Since: 23-09-2009

 Latest News :
भारत-USA के बीच 3 अरब डॉलर की डिफेंस डील.   CAA विरोध का उपद्रव हिंसा में सात लोगों की मौत.   मोटेरा में दिखी ट्रंप-मोदी की दोस्ती.   वर्चस्व के लिए कांग्रेस के नेता आपस में भिड़े.   बरेली को आखिर मिल गया अपना झुमका.   शाहहिं बाग़ पर सुप्रीम कोर्ट की दो टूक .   जर्जर भवन में गढ़ता कल का भविष्य.   कर्ज में डूब रहा है कमलनाथ का मध्यप्रदेश.   शिक्षकों को अपमानित करने वाला फरमान.   दिग्विजय सिंह:शिवराज सिंह चौहान गर्त में है .   मौसम में 29 फरवरी से होगा बड़ा बदलाव.   जमकर थिरके गुना सांसद केपी यादव.   पखांजूर में धान खरीदी नहीं होने से घुस्साये किसान.   अस्पताल से छह दिन का बच्चा चोरी.   जवानों ने बरामद किया प्रेशर आईईडी बम.   अस्तित्व में आया गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला.   CM भूपेश ने बच्चों से कहा डर छोड़कर साहसी बनें.   अबूझमाड़ पीस हाफ मैराथन का किया गया आयोजन.  

देश की खबरें

अमेरिका से रोमियो और अपाचे हेलिकॉप्टर लेगा भारत   अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे के दूसरे दिन दोनों देशों के बीच करीब 3 अरब डॉलर की डिफेंस डील पर मुहर लगी है |   इन सौदे में अमेरिका से  चौबीस  |  एमएच-60 रोमियो हेलिकॉप्टर और  छह   एच 64ई अपाचे हेलिकॉप्टर भारत लेगा. |  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडल के बीच हैदराबाद हाउस में हुई बातचीत में इस डिफेंस डील पर सहमति बनी है |  राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि 3 अरब डॉलर से ज्यादा के डिफेंस डील से दोनों देशों के रक्षा संबंध और मजबूत होंगे |  साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, 'हमने भारत-अमेरिका पार्टनरशिप के महत्वपूर्ण पहलुओं पर चर्चा की, वह चाहे रक्षा हो या सुरक्षा. |  हमने एनर्जी स्ट्रैटिजिक पार्टनरशिप, ट्रेड और पीपल-टु-पीपल के बीच संबंधों पर भी चर्चा की |  रक्षा क्षेत्र में भारत-अमेरिका के बीच मजबूत होता रिश्ता हमारी साझेदारी का महत्वपूर्ण पक्ष है. |  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा  कि ये दो दिन बहुत शानदार रहे  |  पीएम मोदी के साथ बहुत अच्छी बैठक हुई  | भारत एक महान देश है  | भारत में हमने सभी को पसंद किया |   पीएम मोदी और मेरे बीच बहुत अच्छे संबंध रहे  |  हमने कई मुद्दों पर बात की। यह हमारे लिए, मेरे परिवार के लिए बहुत अच्छा समय रहा  | भारत और अमेरिका के संबंध नई ऊंचाइयों पर पहुंचे हैं  | इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित भोज में हिस्सा  लिया और  अमेरिका रवाना हो गए  |   

Madhya Bharat Madhya Bharat 25 February 2020

देश की खबरें

रेत खदान के झगडे में उलझे कांग्रेस नेता             मध्यप्रदेश में कांग्रेस नेताओं के रेत कारोबार झगडे की वजह बनते जा रहे हैं  | छतरपुर के खजुराहो में रेत के झगडे में कांग्रेस के  पूर्व विधायक और वर्तमान विधायक के समर्थक आपस में भिड़ गए |  पुलिस मामले की जाँच कर रही हैं  |  छतरपुर के खजुराहो मे काग्रेंस के  पूर्व विधायक और विधायक के समर्थक आपस मे भिड़ गये  और विधायक समर्थको ने  पूर्व  विधायक के समर्थको की लाठी डंडो से गाडियां तोड़ दी और फिर पूर्व विधायक के समर्थको की जमकर पिटाई कर दी  | पूरी घटना पावर हाऊस मे लगे सीसीटीवी कैमरे मे कैद हो गई     राजनगर से काग्रेंस विधायक विक्रमसिंह नातीराजा के समर्थक सूरजपुरा पंचायत की खादान से अवैध रेत निकाल कर टृको से भेज रहे थे , काग्रेस के पूर्व विधायक शंकर प्रताप सिंह बुन्देला के समर्थकों ने इन टृको को रोक लिया ,और दो टृको की चाबियां छीन ली और जाने लगे ,तभी विधायक समर्थको को इसकी सूचना लगी ,तो दो दर्जन विधायक समर्थक पावर हाऊस पहुंच गये और उन्होने पहले  पूर्व  विधायक के समर्थको की तीन  करें तोड़ दी और फिर उनकी जमकर पिटाई कर दी  | लेकिन जब पूर्व  विधायक के पुत्र युवक काग्रेस नेता थाने पहुंचे तो पहले पुलिस ने रिपोर्ट नही लिखी ,लेकिन बाद मे सीसीटीवी के आधार पर पुलिस ने विधायक समर्थक 10 लोगो पर मामला दर्ज कर लिया और बाकी  की सीसीटीवी की मदद से पहचान की जा रही है  |  छतरपुर जिले की सभी खादानो पर रेत निकालने पर पाबंदी कलेक्टर ने लगा रखी है ,लेकिन फिर भी  अवैध रेत का उत्खनन जारी है  |   

Madhya Bharat Madhya Bharat 20 February 2020

मध्यप्रदेश की खबरें

उद्योगपति मुख्यमंत्री को नहीं परवाह   मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की पहचान उद्योगपति के रूप में तो थी |  मगर उन्हें चिंता थी मध्यप्रदेश की पहचान की |  तो उन्होंने आइफा करवाने का निर्णय लिया   | मुख्यमंत्री कमलनाथ के इस निर्णय से प्रदेश को पहचान मिलेगी या नहीं ये बाद का विषय हैं  | अभी तो खुद कमलनाथ जी दो चीजों से पहचाने जाने लगे हैं  .| एक उद्योगपति मुख्यमंत्री की दूसरी आईफा वाले मुख्यमंत्री जी   | मगर अब जनता इंतजार कर रही हैं  |  अपने प्रदेश के मुख्यमंत्री के आसमान से नीचे आने का  | क्यूंकि मध्यप्रदेश का भविष्य यानि स्कूल में पढ़ने वाले नन्हे बच्चे रोज अपनी जान पर खेल कर   | जर्जर भवन में पढ़ने को मजबूर हैं  |  मुख्यमंत्री कमलनाथ जी  | जरा फ़िल्मी सितारों की चकाचौंध से बाहर आकर अपने प्रदेश का अन्धकार भी देखिये  | देखिये की कैसे जर्जर भवन में आपके प्रदेश का  |  कल का भविष्य गढ़ रहा हैं  |  ये बच्चे जानते हैं की पढ़ेंगे नहीं तो भविष्य खराब हो जाएगा  | इसलिए आपके राज में अपनी जान पर खेल कर मज़बूरी में  इस जर-जर भवन में पढ़ रहे हैं  |  जो कभी भी इनके ऊपर गिर सकता हैं  | ये जो तस्वीरें आप देख रहे हैं |  यह आप ही के राज की हैं    शासकीय माध्यमिक शाला बीना में जर्जर भवन की है   | बच्चों के साथ जर्जर भवन में कभी भी कोई भी घटना घटित हो सकती है  | मगर फ़िक्र किसको हैं  | ये तो सिर्फ शिकायत कर सकते हैं तो  |  बीआरसी और  उच्च अधिकारियों को शिकायत भी की   |  मगर उन्हें भी क्या  |  उनके बच्चे भी नहीं पढ़ते इस स्कूल में भवन गिरे तो गिरे क्या फर्क पड़ता हैं  शिक्षा विभाग ने मौन धारण कर रखा हैं  | और चुनाव जीतने के बाद तो जनप्रतिनिधि कुंभकरण की नींद सो ही जाते हैं  |  देवरी कला देवरी से लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित  ग्राम पंचायत बीना के शासकीय माध्यमिक शाला मैं जर्जर भवन में संचालित किया जा रहा है    कभी भी ये भवन भरभरा  के गिर सकता हैं  | मुख्यमंत्री जी आपको जान कर ख़ुशी होगी की  |  आपके प्रदेश के बीना शासकीय माध्यमिक शाला में पढ़ने वाले बच्चे अपने भविष्य को लेकर बेहद जागरूक  हैं  |  लगभग  165 संख्या में उपस्थित दर्ज होती है |  यहां की शिक्षा व्यवस्था तो ठीक-ठाक है | बच्चों को पढ़ना पसंद हैं और शिक्षकों को पढ़ना भी पसंद हैं  | मगर सबकी चिंता एक ही हैं की न जाने कब ये  जर्जर भवन काल साबित हो जाए  | तस्वीरें झूठ नहीं बोलती  | पूरी तरह से विद्यालय जर्जर स्थिति में है |  कभी भी बिल्डिंग की  छत का हिस्सा बच्चों को अपना शिकार बना सकता है   | शिक्षक मजबूर हैं |  शासकीय माध्यमिक शाला के जर्जर भवन में बच्चों को शिक्षा दे रहे हैं  | उनका काम शिक्षा देना हैं जो वो पूरी ईमानदारी से कर रहे हैं  |  वो अपना काम न करे तो  |  बच्चे शिक्षा से वंचित रह जाएंगे  |  मगर शासन प्रशासन और शिक्षा विभाग शायद किसी बड़ी घटना घटने   का इंतजार कर रहा हैं  |  तो मुख्यमंत्री कमलनाथ जी देखा आपने  |  की आपके प्रदेश का भविष्य किन हालातों में पल रहा हैं  | बेहतर हो की जनता के टैक्स का पैसा सही जगह उपयोग हो  |  मुख्यमंत्री जी आप प्रदेश की पहचान बने इसलिए ही तो आपको मुख्यमंत्री बनाया था  | मगर आपकी पहचान आइफा वाली होने की जगह |  उच्च दर्जे की शिक्षा वाले मुख्यमंत्री  | बेहतर रोजगारवाले मुख्यमंत्री   |  खुशहाल किसान वाले मुख्यमंत्री |  सुरक्षित महिला वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री  |  वाली बनती तो जनता आपको सर आँखों पर बिठा कर रखती   | जरा सोचिये की क्या आइफा आपकी सही पहचान बना पायेगा  |   

Madhya Bharat Madhya Bharat 25 February 2020

मध्यप्रदेश की खबरें

ज्योतिरादित्य सिंधिया से कोई विवाद नहीं है   मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने  कहा कि उनके और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच कोई विवाद है, ऐसा प्रचार भाजपा कर रही है   | शिवराज सिंह चौहान इन दिनों गर्त में है |  भाजपा उन्हें पीछे धकेल रही है  |  मध्यप्रदेश में नरोत्तम मिश्रा, कैलाश विजयवर्गीय और विपक्ष के नेता गोपाल भार्गव उन्हें पीछे धकेलने में लगे हैं  |  कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया की सड़क पर हुई मुलाक़ात चर्चा का विषय बनी हुई है  | दोनों नेताओं के बीच होने वाली समझौता वार्ता एक बार फिर नहीं हो पाई है   | ऐसे में दिग्विजय सिंह ने कहा  कि मैं गुना जा रहा हूं और सिंधिया भी आ रहे हैं  |  यदि मैं उनसे न मिलूं तो मीडिया वाले कहते हैं कि उनके और मेरे बीच में तकरार है  | उन्होंने साफ़ कहा कि उनके और सिंधिया के बीच कोई विवाद नहीं है  |  उन्होंने कहा कि कम्प्यूटर बाबा की कार्यप्रणाली अलग है  | लक्ष्मण सिंह जी की अलग है।   मेरी अलग है |  सबका काम करने का तरीका अलग-अलग होता है  |  दिग्विजय सिंह ने कहाकि अशोकनगर जिला बनने के बाद बहुत आगे बढ़ा है  | ज्योतिरादित्य सिंधिया से लेकर कांग्रेस के नेताओं ने बहुत काम किया है  |  शराबबंदी पर उन्होंने कहा कि यदि उस मोहल्ले की 50  प्रतिशत महिलाएं लिखकर दें तो वहां दुकान नहीं खुलेगी  |  शराब नीति पर उन्होंने कहा कि शराबबंदी का कहीं भी जिक्र नहीं है, लेकिन अगर किसी मोहल्ले की  महिलाएं लिखकर दे दें कि दुकान नहीं खोलना है तो दुकान वहां नहीं खुलेगी यह मेरे मुख्यमंत्री काल से चला आ रहा है  |  प्रदेश अध्यक्ष बनने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी तय करेगी  |   

Madhya Bharat Madhya Bharat 25 February 2020

छतीसगढ़ की खबरें

पीव्ही 78 धान खरीदी केंद्र के बाहर   पखांजूर में  धान खरीदी नहीं होने से घुस्साये किसानो ने  पीव्ही 78 धान खरीदी केंद्र के बाहर  | सड़क के ऊपर टैक्टर खड़ा कर चक्का जाम कर दिया  और हंगामा करने लगे |  किसानो ने  शासन-प्रशासन के विरुद्ध  नारेबाजी की |  किसानो ने  कड़ी चेतावनी देते हुए कहा की अगर सरकार हमारा धान नहीं खरीदेगी तो  | पूरे धान को सड़क पर  फेक  दिया जाएगा  |  शासन निरंतर  वादा खिलापी कर रही है  |  धान खरीदी केंद्र में  ना तो संचालक हैं  |  ना  कंप्यूटर आपरेटर   | और ना ही बारदाना हैं  | ऐसे में हम किसान अपनी मेहनत की फसल को कैसे बेचकर बैंको का कर्जा चुकायेंगे  |   मडोरा नव-निर्वाचित सरपंच ने कहा जब तक शासन धान खरीदी की सुचारू व्यवस्था नहीं करती |  तब तक हम सैकड़ो ग्रामीण मुख्य सड़क पर बैठकर धरना प्रदर्शन करते रहेंगे     

Madhya Bharat Madhya Bharat 25 February 2020

छतीसगढ़ की खबरें

अब छत्तीसगढ़ में  हो गए हैं कुल  28 जिले   छत्तीसगढ़ के नवगठित 28वें जिले गौरेला-पेंड्रा-मरवाही सोमवार को अस्तित्व में आ गया  |  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की मौजूदगी में आज दोपहर इसका औपचारिक शुभारंभ हुआ |  शिखा राजपूत तिवारी इस जिले के प्रथम कलेक्टर और परिहार एसपी तैनात किए गए हैं  |  शुभारंभ अवसर पर उपस्थितजनों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ऐलान किया कि नए जिले में पसान तहसील भी शामिल  होगी   |  नवगठित जिले में तीन तहसील तथा तीन विकासखण्ड गौरेला, पेंड्रा और मरवाही शामिल किया गया था  | शुभारंभ अवसर पर मंच से पसान तहसील को भी इसमें शामिल करने का ऐलान किया गया  | जिले का क्षेत्रफल 1 लाख 68 हजार 225 हेक्टेयर होगा। जिले में मरवाही विधानसभा के 200 गांव और कोटा विधानसभा के 25 गांव, कोरबा लोकसभा क्षेत्र के 200 गांव और बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के 25 गांव शामिल हैं  | गौरेला-पेंड्रा-मरवाही क्षेत्र पत्रकारिता में अपनी अलग पहचान रखता है  |  छत्तीसगढ़ का प्रथम समाचार पत्र छत्तीसगढ़ मित्र का प्रकाशन मासिक पत्रिका के रूप में पेंड्रा से वर्ष 1900 में पंडित माधवराव सप्रे के संपादन में  शुरू हुआ था  | खनिज संपदा और औषधीय पौधे यहां की पहचान है  | यहां के विष्णुभोग चावल की महक पूरे देश में फैली है  | गौरेला पेंड्रा मरवाही जिला दूरस्थ वनांचल में स्थित है  | जिला मुख्यालय बिलासपुर से मरवाही तहसील के अंतिम छोर की दूरी लगभग 165 किलोमीटर है  |    

Madhya Bharat Madhya Bharat 10 February 2020

Video

Page Views

  • Last day : 4462
  • Last 7 days : 35666
  • Last 30 days : 147194
All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.