Since: 23-09-2009

मध्यप्रदेश की खबरें

छत्तीसगढ़ की खबरें

मध्यप्रदेश की खबरें

  मध्यप्रदेश के स्थानीय निकायों के कार्यकाल पूरा होने के छह महीने पहले वार्डों का परिसीमन कर लिया जाएगा। इसकी सूचना राज्य निर्वाचन आयोग को भी दी जाएगी। मध्यप्रदेश नगरपालिक निगम अधिनियम में मध्यप्रदेश नगर पालिक विधि (तृतीय संशोधन) विधेयक 2016 के विधानसभा में बुधवार को ध्वनिमत से पारित हो जाने के बाद यह व्यवस्था हो जाएगी। विस में नगरीय विकास एवं आवास मंत्री माया सिंह ने कहा कि अभी नगरीय निकायों के वार्डों में स्थानों को जोड़ने, हटाने या सुधार करने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग को सूचना देने की कोई समय सीमा नहीं है। इससे मतदाता सूची तैयार करने तथा निर्वाचन का संचालन करने में दिक्कतें होती हैं। शहरी स्थानीय निकाय हमेशा आयोग से परिसीमन के लिए अतिरिक्त समय देने की मांग करते रहते हैं। इस कारण कई बार निर्धारित समयावधि में चुनाव नहीं हो पाते। इस संशोधन विधेयक पर चर्चा की शुरुआत करते हुए कार्यकारी नेता प्रतिपक्ष बाला बच्चन ने कहा कि कई आदिवासी क्षेत्र में स्थानीय निकायों के छह महीने बाद चुनाव होने जा रहे हैं। वहां इसकी सूचना नहीं है जिससे अर्द्धविकसित कॉलोनियां स्थानीय निकाय में शामिल नहीं हो पाईं है। इस कारण न तो ये मतदान कर पाएंगे और जब उन्हें स्थानीय निकाय में शामिल किया जाएगा तो वे अर्द्धविकसित ही रह जाएंगी। चर्चा में अशोक रोहाणी, यशपाल सिंह सिसौदिया ने भी हिस्सा लिया।     Attachments 

Madhya Bharat Madhya Bharat 8 December 2016

मध्यप्रदेश की खबरें

    मुख्यमंत्री शिवराज ने किया द्वितीय राज्य स्तरीय मुख्यमंत्री कप 2016 का शुभारंभ  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने विद्यार्थियों और खिलाड़ियों का आव्हान किया है कि वे पढ़ाई के साथ-साथ खेलों में भी प्रदेश का नाम रोशन करे। उन्होंने कहा कि गरीब प्रतिभाशाली बच्चों द्वारा बड़े शिक्षण संस्थानों में प्रवेश लेने पर उनकी फीस सरकार भरेगी। इसी प्रकार खेलों में विक्रम पुरस्कार मिलने पर सरकारी नौकरी दी जायेगी। श्री चौहान  भोपाल के टीटी नगर  स्‍टेडियम में राज्य स्तरीय मुख्यमंत्री कप 2016 का शुभारंभ कर रहे थे। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री कप पिछले वर्ष से आयोजित किया जा रहा है। इस साल यह द्वितीय मुख्यमंत्री कप है। इसमें 10 संभाग से कुल 1200 बालिक-बालिकाएँ भाग ले रहे हैं। मुख्यमंत्री कप 2016 का आयोजन कबड्डी, व्हालीबॉल, एथलेटिक्स, कुश्ती, फुटबॉल एवं कराते खेल में बालक/बालिका वर्ग में किया जा रहा है। राज्य स्तरीय दलीय खेलों में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान अर्जित करने वाले बालक/बालिका दलों को क्रमश: एक लाख, 75 हजार और 50 हजार रूपये नगद पुरस्कार एवं व्यक्तिगत खेलों में क्रमश: 10 हजार, 7 हजार एवं 5 हजार रूपये के नगद पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने प्रतिभागी खिलाड़ियों को उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएँ दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के खिलाड़ियों में क्षमता है, लगन है और मेहनत करने का जज़्बा है। वे ओलम्पिक में मेडल जीत सकते हैं। सिर्फ कड़ी मेहनत और लगन की जरूरत है। श्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री कप के बाद विधायक कप का भी आयोजन किया जायेगा। खेल मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि मुख्यमंत्री कप से ग्रामीण क्षेत्रों की खेल प्रतिभाएँ सामने आई हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की खेल अकादमियों से कई अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी निकले हैं और उन्होंने प्रदेश का नाम रोशन किया है। मुख्यमंत्री कप में भाग लेने के लिये चयनित दलों की संभाग स्तरीय प्रतियोगिताएँ करवाई गई। इनके विजेताओं को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने का अवसर मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने संभागवार खिलाड़ियों के मार्च पास्ट की सलामी ली। इस अवसर पर सचिव खेल श्री सचिन सिन्हा, संचालक खेल श्री उपेन्द्र जैन और खेल प्रेमी उपस्थित थे।     Attachments 

Madhya Bharat Madhya Bharat 8 December 2016

छतीसगढ़ की खबरें

    दंतेवाड़ा में  500 और 1000 के पुराने नोट बंद होने के बाद नक्सलियों के पैसे एक्सचेंज करने पहुंचे एक युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। युवक के पास से एक लाख 10 हजार रुपए के पुराने एक-एक हजार रुपए के नोट मिले हैं। इसी के साथ उसे नक्सली बैनर और पोस्टर भी बरामद हुए। जानकारी के मुताबिक भांसी पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि एक युवक नक्सलियों का कालाधन सफेद करने की कोशिश में लगा है। इस पर पुलिस‍ि ने घेराबंदी कर उसे पकड़ लिया। जिसके बाद उसे भांसी थाने ले जाया गया, जहां उससे पूछताछ की जा रही है। पुलिस‍ ने गंगालुर थाना क्षेत्र के कमकानार से दो नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। नक्सली हेमला लक्खू पर 8 स्थाई वारंट और हेमला रूपा पर 2 स्थाई वारंट लंबित थे। पुलिस बल और सीआरपीएफ 85 बटालियन की संयुक्त कारवाई में इन्हें पकड़ा गया है। गंगालुर टीआई अब्दुल समीन ने इसकी जानकारी दी है।  

Madhya Bharat Madhya Bharat 8 December 2016

छतीसगढ़ की खबरें

    ऑक्सफैम इंडिया तथा साझा मंच ने संयुक्त रूप से महिला हिंसा के विरूद्ध “बनो नयी सोच” अभियान का शुभारम्भ ५ दिसम्बर को एक रंगारंग कार्यक्रम से कियाI इस अवसर पर छत्तीसगढ़ के १२ जिलों से लगभग ७०० महिलाएं, पुरुष और युवाओं ने महिला हिंसा को प्रतिपादित करती हुई सामाजिक प्रथाओं को बदलने का प्रण कियाI इस राष्ट्रीय अभियान कि शुरुआत बिहार से संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित महिला हिंसा की समाप्ति के लिए मनाये जाने वाला अंतर्राष्ट्रीय दिवस के २५वें सालगिरह के शुभवसर पर किया गयाI  कार्यक्रम में अतिरिक्त महानिदेशक (पुलिस विभाग) (योजना तथा प्रावधान, साइबर क्राइम) श्री राजेंद्र कुमार विज, राज्य महिला आयोग कि अध्यक्षा श्रीमती हर्षिता पाण्डेय, अध्यक्ष राज्य युवा आयोग श्री कमल चन्द्र भंजदेव, रायपुर जिला विधिक सहायता प्राधिकरण श्री उमेश चौहान, ऑक्सफैम इंडिया, थीम लीड जेंडर जस्टिस सुश्री जूली थेकुडन, नेहरु युवा केंद्र के प्रतिनिधी एवं संयुक्त राष्ट्र संघ के वालंटियर श्री अनिल मिश्र तथा कई प्रसिध्द सामाजिक संस्था के सदस्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुएI “बनो नयी सोच” अभियान का उद्देश्य समाज के उस सोच और प्रथा को चुनौती देना और बदलना है जिनके कारण महिलाओं को “कोख से कब्र” तक हिंसा का सामना करना पड़ता हैI  कार्यक्रम को उद्बोधित करते हुए अतिरिक्त महानिदेशक (पुलिस विभाग) (योजना तथा प्रावधान, साइबर क्राइम) श्री राजेंद्र कुमार विज ने कहा कि, “ गत कुछ वर्षों से महिलाएं एवं लडकियां घर से बाहर निकल रही हैं, समाज में अपनी वित्तीय स्वायत्तता को स्थापित करने के लिए. एक ओर जहां यह एक प्रशंसनीय बात है, वहीँ हमें ये भी याद रखना होगा कि घरों के अन्दर उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करना एक कठिन कार्य होता जा रहा है.जब हम पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में प्रशिक्षण लेते हैं तो हमें ये पढाया जाता है कि अपराधिक मानसिकता मनुष्य को अपने घर से, पालन पोषण से तथा समाजीकरण से ही मिलता है. इसलिए हमें ये याद रखना होगा कि हम अपने बच्चो को कैसी परवरिश दे रहे हैं.   वहीँ राज्य महिला आयोग कि अध्यक्षा श्रीमती हर्षिता पाण्डेय ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा, कि एक ओर तो हम देवियों की पूजा करते हैं क्यूंकि हमें जीवन में लाभ एंड समृद्धि मिलेI वहीँ दूसरी ओर हम अपने घर में महिलाओं तथा बच्चियों के साथ हिंसात्मक व्यवहार करते हैंI इस दोहरी मानसिकता का अंत करना होगाI उन्होंने ऑक्सफैम को बधाई देते हुए कहा कि संस्था ने मंच दोनों ही तरफ महिलाओं को समान भागीदारी दी है.  अध्यक्ष राज्य युवा आयोग श्री कमल चन्द्र भंजदेव ने इस अवसर पर कहा कि छत्तीसगढ़ में महिला हिंसा एक ऐतिहासिक सत्य नहीं हैI परन्तु आज के दौर में यह एक भयावह सच्चाई है. इस सोच को ख़त्म करने के लिए हमें अपने बच्चों को शुरुआत से ही नैतिक शिक्षा देना होगा. इसके लिए माता पिता तथा स्कूल दोनों ज़िम्मेदार हैं. तत्पश्चात ऑक्सफैम इंडिया रायपुर के क्षेत्रीय प्रबंधक आनंद शुक्ल ने कहा कि महिला हिंसा के लिए समाज का हर वर्ग ज़िम्मेदार है. और यह देख के ख़ुशी होती है कि आज इसके खिलाफ मंच पर पुलिस विभाग के अधिकारी, सामाजिक संगठन और महिला एक्टिविस्ट एक साथ आये हैं.   ऑक्सफैम इंडिया की थीम लीड (लैंगिक न्याय) जूली थूक्काडन ने कहा कि यह जानकार भय होता है कि आज भी भारत में ५४% महिलाएं तथा ५१% पुरुषों की यह सोच है कि महिलाओं को पीटा जाना सही हैI वहीँ राष्ट्रीय परिवार तथा स्वास्थ्य सर्वे III के अनुसार छत्तीसगढ़ में हर तीसरी विवाहित महिला ने घरेलु हिंसा का सामना किया हैI उन्होंने आगे कहा कि इस सोच को बदलना ही महिला हिंसा को ख़त्म करने का एक कारगर कदम हैI ३० से भी ज्यादा देश समय के साथ इस अभियान का हिस्सा बनेंगेI  हम साथ में महिलाओं तथा बच्चियो के विरुध्ध हिंसा को समाप्त कर सकते हैं. कार्यक्रम कि शुरुआत में मेहमानो का पौधों से स्वागत किया गयाI संघर्ष के गीतों तथा नेहरू युवा केंद्र द्वारा आकर्षक नुक्कड़ नाटक ने भी समां बाँधाI एवं महिला हिंसा कि महत्वपूर्ण ऐतिहासिक पड़ाव को दर्शाते हुए एक पंडवानी प्रस्तुत की गयीI मंच का सञ्चालन हेमलता राठौर और लता नेताम ने किया और आभार प्रदर्शन वर्णिका सिन्दुरिया ने किया. अंत में विशाल मानव श्रृंखला का निर्माण किया गया तथा एक महिला हिंसा मुक्त समाज की संरचना का प्रण लिया गयाI        

Madhya Bharat Madhya Bharat 6 December 2016

Video

Page Views

  • Last day : 2894
  • Last 7 days : 16658
  • Last 30 days : 77476
Advertisement
All Rights Reserved ©2016 MadhyaBharat News.