Since: 23-09-2009

 Latest News :
डकैत बबुली को पुलिस ने नहीं उसके साथी ने ही मारा.   लड़ाकू विमान तेजस में उड़े रक्षामंत्री राजनाथ सिंह.   अयोध्या मसले पर 18 अक्टूबर तक पूरी हो सुनवाई.   क्या अब मुख्यमंत्री कमलनाथ जायेंगे जेल.   बालाकोट में सीजफायर का किया उल्लंघन.   अठावले की पकिस्तान को नसीहत .   मंत्री श्री शर्मा ने सफाई दिवस पर लगाई झाड़ू.   संत हिरदाराम जी की कुटिया में जनसंपर्क मंत्री श्री शर्मा ने लिया आशीर्वाद.   मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ द्वारा जबलपुर में पोषण आहार प्रदर्शनी का अवलोकन.   प्रदेश में चिकित्सा क्षेत्र में उच्च-स्तरीय सुविधाएँ विकसित की जाएंगी.   भाजपा ने दिया कांग्रेस भगाओ प्रदेश बचाओ का नारा.   शिक्षिकाओ ने DPC के खिलाफ थाने में दर्ज कराई शिकायत.   छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा मंत्री का बेतुका बयान.   गौठान में गायों की मौत के बाद शुरू हुई सियासत.   युवाओं को नशे से बचाने के लिए अभियान.   केएसके बिजली उत्पादक कंपनी में ताला.   अपनी ही सरकार के खिलाफ उद्योग मंत्री लखमा.   बस्तर मे बाहरी नक्सलियों का जमावाडा.  

देश की खबरें

पुलिस एनकाउंटर की कहानी झूठी निकली डाकू की मौत पर पुलिस ने खुद थपथपाई थी अपनी पीठ   डकैत बबुली और उसके साथी लवलेश के पुलिस एनकाउंटर की कहानी फर्जी है |  इन दोनों डाकुओं को  इनके साथियों  ने  मौत के घाट उतारा था जिसका श्रेय मध्यप्रदेश पुलिस लेने में लगी है |  इस  घटना से पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लग गए हैं |  विंध्य के कुख्यात डकैत बबुली और लवलेश कोल को पुलिस ने नहीं उसी के साथियों ने मार दिया था |  इन दोनों के मरने की खबर के बाद पुलिस ने जंगल से डकैतों की लाश बरामद कर इन्हें एनकाउंटर में मारने का दावा किया था |  लेकिन बबुली कोल को मारने वाले डकैत सोहन कोल ने खुलासा किया कि इन दोनों को उसने और उसके साथियों ने मारा |  बबुली और लवलेश की मौत के बाद मध्यप्रदेश पुलिस खुद अपनी पीठ थपथपा रही थी |  इस मामले में  रीवा IG चंचल शेखर  की बताई कहानी की एक डाकू ने ही हवा निकाल दी है |  चंचल शेखर पर पहले भी भिंड में  फर्जी एनकाउंटर के आरोप लगे हैं |  इसी बीच चित्रकूट पुलिस टीम द्वारा पकड़े गए एक लाख के इनामी डाकू सोहन कोल ने यह कहकर हडकंप मचा दिया कि उसने अपने साथियों के साथ मिलकर सरगना बबुली और लवलेश को गोलियों से भून दिया था |   इसके बाद वह भाग गए थे |   डाकू के इस दावे के बाद  मध्यप्रदेश  पुलिस अधिकारियों की बोलती बंद हो गई है और यूपी पुलिस भी डकैत सोहन की बात को सच मान रही हैं |  पहले सोहन कोल को सुनिए |  सूत्र बताते हैं गैंग सरगना बबुली कोल और लवलेश को मारने के बाद लाली कोल ने पुलिस के सामने समर्पण कर दिया था  और सोहन अपने दो साथियों के साथ कुछ हथियार लेकर भाग गया था |  एक लाख के इनामी सोहन कोल को यूपी की चित्रकूट पुलिस ने मानिकपुर के कल्याणपुर के जंगल में मुठभेड़ के बाद एक राइफल संग दबोच लिया |  मौके से एक डकैत भाग निकला  |  सोहन की निशानदेही पर जंगल से दो  सेमी  ऑटो राइफल, सौ से ज्यादा कारतूस और 20 हजार रुपये की नगदी बरामद की गई पुलिस का दावा है कि जो हथियार मिले हैं, वो डाकू गया बाबा और ददुआ के समय के हैं |  इधर सतना में  हरसेड़ गांव में किसान अवधेश द्विवेदी के अपहरण में डकैतों की मदद करने वाले लाली कोल की मां मुन्नी कोल ने बड़ा खुलासा किया है  |  मुन्नी कोल ने मीडिया के सामने दिए गए बयान में कहा है कि डकैत बबुली व लवलेश कोल को मरने वालों में लाली  भी शामिल था  |  मुन्नी बाई ने बताया कि दोनों डकैत लोगों को बहुत परेशान करते थे |   जिससे त्रस्त होकर  दोनों को मार दिया  |  इसके बाद उसने खुद पुलिस के सामने जाकर आत्मसमर्पण कर दिया |  डकैत बबुली के मौत पर रोज नए खुलासे हो रहे हैं |  इसके बाद मध्यप्रदेश पुलिस की जमकर किरकिरी हो रही है |  मध्यप्रदेश पुलिस के एनकाउंटर की कहानी में भी जमकर झोल झाल है | ऐसे में उत्तरप्रदेश पुलिस का कहना है कि डकैत बबुली की गैंग का सफाया  उसी के साथियों ने किया | डकैत सोहन और लाली कोल की कहानी लगभग एक जैसी है जो मध्यप्रदेश पुलिस को कटघरे में खड़ा कर रही है|   

Madhya Bharat Madhya Bharat 21 September 2019

देश की खबरें

सिरसा :अब कमलनाथ के दिन गिनती के हैं सिख विरोधी दंगे में कमलनाथ पर गिरेगी गाज   मुख्यमंत्री कमलनाथ जी आप संकट में हैं | 1984 के सिख विरोधी दंगों में आपके खिलाफ फ़ाइल खुल चुकी है और गवाह भी तैयार हैं  | गवाहों की मानें तो 1984 के रकाबगंज कत्लेआम में आपने लोगों को उकसाने का काम किया था  | इस मामले में न्याय के लिए लड़ रहे मनजिंदर सिंह सिरसा का कहना है कमलनाथ जी आपके पास मुख्यमंत्री के रूप में गिनती के दिन बचे हैं  | क्योंकि इस मामले में आप को जेल तक जाना पड़ सकता है  |  1994 में रकाबगंज के कत्लेआम में कमलनाथ की क्या भूमिका थी अब इसका खुलासा हो सकता है  |  मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा अब मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के गिनती के दिन बचे हैं  | सिख विरोधी दंगे के चश्मदीद संजय सूरी ने गवाही दी है कि उस दिन कमलनाथ ने लोगों को उकसाया था  सिरसा का कहना है इस मामले में कमलनाथ को जेल भी जाना पड़ सकता है  | लम्बे आरसे से 1984 के सिख विरोधी दंगों में न्याय के लिए लड़ रहे लोगों के साथ खड़े नेता मनजिंदर सिंह सिरसा की मानें तो दंगे के चश्मदीद संजय सूरी ने सारा सच नानावटी आयोग को बताया है   |  मनजिंदर सिंह सिरसा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को आगाह किया कि  1984 नरसंहार का सच सुनने के लिए  तैयार रहें  | सिरसा ने कहा कि कमलनाथ के लिए अब उल्टी गिनती शुरू हो गई है  | मनजिंदर सिंह सिरसा ने ट्वीट किया कि   न्याय में देरी हो सकती है, न्याय से बचा नहीं जा सकता  |  सिरसा ने  संजय सूरी के एफआईआर विटनेस के रूप में  पेश होने का स्वागत किया है  |   

Madhya Bharat Madhya Bharat 17 September 2019

मध्यप्रदेश की खबरें

जनसम्पर्क मंत्री  पी.सी. शर्मा ने आज सुबह  5 नंबर मार्केट, शिवाजी नगर में विश्व सफाई दिवस पर स्थानीय जन-प्रतिनिधियों,  नागरिकों और नगर निगम के सफाई दल के साथ सफाई की l शर्मा ने नागरिकों को सफाई और स्वच्छता की शपथ भी दिलाई l पार्षद योगेन्द्र सिंह चौहान , एडीशनल कमिश्नर नगर निगम श्री मयंक वर्मा और  बड़ी संख्या मेँ नागरिक मौज़ूद थेl   

Madhya Bharat Madhya Bharat 22 September 2019

मध्यप्रदेश की खबरें

मुख्यमंत्री  कमल नाथ द्वारा जबलपुर में सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल का लोकार्पण मुख्यमंत्री  कमल नाथ ने कहा है कि नौजवानों को रोजगार और उनके बेहतर भविष्य के साथ किसानों का कल्याण राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। नाथ ने कहा कि प्रदेश में चिकित्सा क्षेत्र में उच्च-स्तरीय सुविधाएँ विकसित की जाएंगी जिससे प्रदेश के लोगों को बाहर से अस्पतालों में इलाज के लिए न जाना पड़ेगा।  नाथ आज जबलपुर में नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज परिसर में 150 करोड़ की लागत के 220 बिस्तरीय सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल का लोकार्पण कर रहे थे। जबलपुर जिला प्रभारी और ऊर्जा मंत्री  प्रियव्रत सिंह भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर 42 करोड़ 16 लाख की लागत के कार्यों का भी भूमि-पूजन किया। मुख्यमंत्री  नाथ ने कहा कि प्रदेश की 70 प्रतिशत आबादी कृषि पर निर्भर है। सरकार ने पिछले नौ माह में कृषि क्षेत्र को उन्नत बनाने और किसानों को बेहतर लाभ देने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। हम कृषि क्षेत्र में विकास की नई संभावनाओं को साकार कर रहे हैं ।  नाथ ने कहा कि प्रदेश में अधिक से अधिक रोजगान्मुखी निवेश को प्रोत्साहित किया जा रहा है। इससे हमारे नौजवानों को रोजगार मिलेगा और वे पूरी ऊर्जा के साथ प्रदेश के विकास में अपना योगदान देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में प्रदेश को पूरे देश में अव्वल बनाने के लिए सरकार विशेष प्रयास कर रही है। जबलपुर में सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल बनने से पूरे महाकौशल अंचल में उच्च-स्तरीय चिकित्सा सुविधाएँ लोगों को उपलब्ध होंगी। वहीं नौजवान चिकित्सकों को काम करने के बेहतर अवसर मिलेंगे। उन्होंने कहा कि संस्कारधानी जबलपुर का सुनियोजित विकास किया जाएगा। उन्होंने जबलपुर में हुई कैबिनेट बैठक का उल्लेख करते हुए कहा कि इस बैठक में लिये गये निर्णयों को पूरा किया जा रहा है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विजय लक्ष्मी साधौ ने कहा कि पिछले नौ माह में मुख्यमंत्री कमल नाथ के नेतृत्व में प्रदेश के चिकित्सा क्षेत्र को एक नया आयाम मिला है। उन्होंने कहा कि डॉक्टरों की उपलब्धता बढ़ाने के लिए 800 मेडिकल सीट को बढ़ाकर 2 हजार किया गया है। आने वाले समय में हम इसे 3 हजार सीट तक ले जाएंगे। वित्त मंत्री तरुण भानोट ने कहा कि जबलपुर के विकास के लिए मुख्यमंत्री ने कई सौगातें दी हैं। सभी परियोजनाओं की डीपीआर बन गई है और शीघ्र ही उन्हें स्वीकृति दी जाएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने जबलपुर में मेट्रो रेल और मेट्रोपॉलिटिन सिटी की योजना बनाने के निर्देश भी दिए हैं। कार्यक्रम को सामाजिक न्याय और नि:शक्तजन कल्याण मंत्री  लखन घनघोरिया, सांसद  विवेक तन्खा ने भी संबोधित किया।    

Madhya Bharat Madhya Bharat 22 September 2019

छतीसगढ़ की खबरें

ट्रेन में बैग चोरी के लिए मोदी को ठहराया जिम्मेदार   ट्रेन में सफर के दौरान छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षामंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम का बैग चोरी हो गया  | उन्होंने बचकाना सा बयान दिया और इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया  | हालांकि उन्होंने इसकी शिकायत जीआरपी थाने में दर्ज नहीं कराई है  | डॉ. टेकाम बिलासपुर जिले के पेंड्रा में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने अमरकंटक एक्सप्रेस से पहुंचे थे  | इस दौरान उनका बैग चोरी हो गया  |  छत्तीसगढ़ के स्कूली शिक्षा मंत्री का बैग ट्रेन से चोरी हो गया तो उन्होंने बड़ा बेतुका सा बयान दिया और इसके लिए सीधे प्रधानमंत्री मोदी को जिम्मेदार  ठहरा दिया | बताया जाता है जब बैग चोरी हुआ तब उनके सुरक्षा कर्मी और पार्टी के लोग उनके साथ थे  | स्कूल शिक्षा मंत्री के बयान से पता चलता है कि छत्तीसगढ़ में कैसे कैसे मंत्री हैं  | पहले सुनिए मंत्री जी का बेतुका बयान |  बैग चोरी को लेकर मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम के बयान पर भाजपा ने पलटवार किया है  | पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सच्चिादानंद उपासने ने मंत्री से पूछा कि आखिर बैग में ऐसा क्या था, जिसे खोने से इस तरह वे अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं  | उपासने ने कहा कि पार्टी इस मामले में कानूनी उपायों पर भी विचार कर रही है ताकि ऐसी अशिष्टता का समुचित जवाब दिया जा सके  | उपासने ने कहा कि विश्व में सबसे लोकप्रिय जननेता और दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री, जिन्होंने भारत की साख को आसमान पर पहुंचा दिया है, उनके प्रति किसी मंत्री की ऐसी बदजुबानी की जितनी भर्त्सना की जाए, वह कम है |       

Madhya Bharat Madhya Bharat 19 September 2019

छतीसगढ़ की खबरें

चार हजार से अधिक लोग हुए बेरोजगार दो सौ मेगावाट बिजली की सप्लाई कर रही थी   छत्तीसगढ़ में 36 सौ मेगावाट बिजली का उत्पादन करने वाली निजी कंपनी केएसके महानदी पॉवर कारपोरेशन  लिमिटेड  में तालाबंदी हो गई है | यह कंपनी उत्तर प्रदेश को सर्वाधिक 200 मेगावाट और आंधप्रदेश व तमिलनाडु को पांच-पांच सौ मेगावाट बिजली की आपूर्ति कर रही थी  | कंपनी में तालाबंदी से साढ़े तीन हजार से अधिक श्रमिक व कर्मचारी एक झटके में बेरोजगार हो गए हैं | प्रबंधन ने तालाबंदी की वजह कर्मचारी संगठनों के आंदोलन को बताया है | जांजगीर के नरियरा  में  केएसके महानदी पॉवर कारपोरेशन  लिमिटेड  में बढ़ते झगड़ों की वजह से तालाबंदी हो गई है  |  यहां भारतीय मजदूर संघ और यूनाईटेट मजदूर संघ् के बीच वेतन वृद्धि विवाद को लेकर  विवाद चल रहा था | जिसके चलते  11 सितंबर से उत्पादन बाधित था | 36 सौ मेगावाट के इस प्लांट में वर्तमान में 14 सौ मेगावाट विद्युत का उत्पादन हो रहा था |  यहां से ग्रिड के माध्यम से आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु, उत्तरप्रदेश के अलावा इस छत्तीसगढ़ में बिजली की आपूर्ति की जा रही थी  | मंगलवार सुबह कर्मचारी व श्रमिक जब कंपनी पहुंचे तो मेन गेट पर लाकआउट का नोटिस चस्पा मिला |  प्रबंधन ने इसके लिए मजूदर संघ पर अधिकारी-कर्मचारियों के साथ मारपीट और बहुसंख्य मजदूरों द्वारा टूलडाउन किए जाने तथा दो श्रमिक संगठनों द्वारा विवाद को जिम्मेदार बताया है  |प्रबंधन ने लाकआउट का कारण यह भी बताया है कि इस गैर कानूनी हड़ताल से कंपनी को बड़ा नुकसान हुआ है और बिजली खरीदने वाले उपभोक्ताओं को परेशानी हुई है, इसलिए औद्योगिक विवाद अधिनियम 1947 की  धारा 24(3) के तहत लाकआउट किया गया है  | केएसके महानदी पॉवर प्लॉट मे ताला लगने से  4000 अधिकारी, कर्मचारी सहित भूविस्थापितों पर बेरोजगारी का खतरा मंडरा रहा है |  तालाबंदी से अचानक 15 सौ मगावाट बिजली उत्पदान ठप्प हो गया है | इससे  5 राज्यों को होने वाली बिजली सप्लाई बाधित हुई है |  इस संयंत्र मे 3500 स्थानीय भू विस्थापितों के साथ 500 के करीब अधिकारी कर्मचारी कार्यरत हैं  | इस मामले मे प्रबंधन की ओर कोई चर्चा के लिए सामने नही आया वहीं कर्मियों ने बताया कि वेतन और प्रमोशन को लेकर विवाद चल रहा था जिसके बाद  प्रबंधन के द्वारा यह कदम उठाया गया है |

Madhya Bharat Madhya Bharat 18 September 2019

Video

Page Views

  • Last day : 4610
  • Last 7 days : 21056
  • Last 30 days : 91930
All Rights Reserved ©2019 MadhyaBharat News.