Since: 23-09-2009

  Latest News :
शशि थरूर:नागरिकता देने में कम है राज्यों की भूमिका.   PM मोदी ने छत्तीसगढ़ पुलिस ऑनलाइन व्यवस्था की प्रशंसा की.   कंगना:निर्भया के दरिंदों को चौराहे पर फांसी दी जाए.   मोदी सरकार को बजट से पहले एक और झटका .   CAA पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट का इंकार.   हत्या कर महिला और पुरुष को घर में जलाया.   कलेक्टर केवीएस चौधरी ने ली परेड की सलामी.   अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के बुरे हाल.   विधायक योगेंद्र सिंह बाबा ने ली परेड की सलामी.   यूनिक गर्ल्स कॉलेज ने निकाला गड़तंत्र दिवस पर रैली.   रिश्वत लेते 2 आरक्षकों का वीडियो वायरल.   15 साल में बढ़े है माफिया सभी माफियाओं पर हुई कार्यवाई.   सिंहदेव ने अम्बिकापुर मे ध्वजारोहण किया.   मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया जगदलपुर में ध्वजारोहण.   छत्तीसगढ़ सीएम भूपेश बघेल का ऐलान.   उद्योगपति प्रवीण सोमानी को छुड़ाया गया.   मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई बजट पर बैठक.   छात्रों को पीएम का संबोधन लाइव दिखाया गाया.  
किसान हड़ताल का असर ,दूध-सब्जी की सप्लाई रुकी
kisan hadtal

किसान हड़ताल का असर ,दूध-सब्जी की सप्लाई रुकी 

मध्यप्रदेश में किसानों की हड़ताल के तीसरे दिन शनिवार को एक बार फिर आम लोगों को दूध और सब्जी की किल्लत का सामना करना पड़ा। कई इलाकों में पुलिस की सुरक्षा में दूध और सब्जी की दुकानें खुलीं, लेकिन इन्हें बहुत ज्यादा कीमत पर बेचा गया। उधर कई जगह आंदोलन कर रहे किसानों ने दूध और सब्जी की सप्लाई रोकने के लिए निजी वाहनों और बसों में भी चेकिंग शुरू कर दी है। भारतीय किसान संघ भी अब इस हड़ताल में शामिल होगा।

किसान के आंदोलन पर सरकार हरकत में आ गई है। शनिवार दोपहर मुख्य सचिव बसंत प्रताप सिंह ने इंदौर, उज्जैन और भोपाल संभाग के अधिकारियों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा की। इस दौरान तीनों संभागों के आईजी, कलेक्टर, एसपी और दुग्ध संघ के अधिकारी भी उपस्थित थे।

देवास के पास कन्नौद में खेत से 2 लीटर दूध लेकर घर आ रहे किसान को आंदोलनकारियों ने सुबह 8.15 बजे सरकारी अस्पताल के सामने रोक लिया, उन्होंने पहले दूध बहाया इसके बाद किसान के साथ मारपीट की। मामले में रिपोर्ट लिखाई गई। राजोदा में कैलोद चौराहे पर निजी वाहनों को रोक कर किसानों ने चेकिंग की, सुबह से खुली दूध डेयरियां भी बंद करवा दी गईं।

खंडवा में बसों की चेकिंग में मिली सब्जी किसानों ने सड़क पर फेंकी। महाराष्ट्र से आया दूध का वाहन भी रोका, जिसके बाद ड्राइवर वाहन को थाने ले गया। वहां पुलिस के संरक्षण में दूध ज्यादा कीमत में बिका।

शाजापुर में सांची दूध की सप्लाई होने से स्थिति कुछ सामान्य हुई, लेकिन खुला दूध अब भी नहीं मिला। यहां सब्जी की सप्लाई बंद रही। शाजापुर में करीब बड़ी संख्या में किसान सड़क पर उतर आए और सरकार विरोधी नारे लगाते हुए जमकर प्रदर्शन किया।

मंदसौर में 300 लीटर दूध एक कार से जब्त हुआ, जिसके बाद जिला अस्पताल में इसे बांट दिया गया। कई जगह किसानों का विरोध जारी रहा उन्होंने रोक-रोकर वाहनों की चेकिंग की। दूध और सब्जी की किल्लत के चलते कई जगह आम लोगों ने किसानों का विरोध किया। लोगों का कहना है कि यह तरीका बिल्कुल गलत है।

झाबुआ और आलीराजपुर में हड़ताल का कोई असर नहीं दिखा, यहां सामान्य रूप से मंडी खुली और दूध की सप्लाई भी सामान्य रही। हालांकि मंड़ि‍यों में सब्जी की आवक पहले की अपेक्षा कम रही।

खरगोन सब्जी मंडी में हालत सामान्य रहे लेकिन सब्जियों के भाव आसमान पर रहे। इंदौर और धार में किसानों आंदोलन के चलते व्यापारी खरगोन नहीं पहुंचे। यहां दूध की सप्लाई भी सामान्य रही। रविवार को सब्जी मंडी बंद रह सकती है। जिले के भीकनगांव में सब्जी का व्यापार जारी। यहां सांची के दूध की सप्लाई भी हुई, गड़बड़ी की आशंका के चलते अमूल का दूध नहीं मंगवाया गया। जानकारी के मुता‍बिक सांची का 10 हजार लीटर दूध यहां सप्लाई हुआ। बड़वानी में किसान आंदोलन का असर नहीं रहा।

 

MadhyaBharat 3 June 2017

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 6821
  • Last 7 days : 29690
  • Last 30 days : 145004


All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.