Since: 23-09-2009

  Latest News :
गुजरात में चुनाव दिसम्बर में होने के संकेत.   मीडिया की गति और नियति.   PM मोदी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की मौजूदगी में रावण दहन .   राज ठाकरे की चुनौती, पहले सुधारो मुुंबई लोकल फिर बुलेट ट्रेन की बात.   छेड़छाड़ पर बीएचयू में तनाव के बीच प्रदर्शन जारी.   पाकिस्तान में छुपा बैठा है डॉन,चार पते मिले.   उद्योग संवर्द्धन नीति-2014 में संशोधन की मंजूरी.   मुख्यमंत्री शिवराज के निवास पर दशहरा पूजा.   मानव जीवन के लिए नदी बचाना जरूरी : चौहान.   मुख्यमंत्री चौहान ने किया सदगुरू की नदी अभियान रैली का स्वागत.   तरुण सागर की कड़वे वचन का विमोचन.   भाजपा किसान मोर्चा ने मांगी राहत.   पुलिस लाइन रायगढ़ के प्रशासनिक भवन में आग.   बीमार पत्नी से झगड़ा पति, हत्या कर फांसी पर झूला.   बस्तर दशहरा के लिए माई जी को न्यौता.   बस्तर को अलग राज्य बनाने की मांग.   मजदूरों को छत्तीसगढ़ में पांच रूपए में मिलेगा टिफिन.   अम्बुजा सीमेंट में पिस गए दो मजदूर.  

देश की खबरें

मध्यप्रदेश की खबरें

छत्तीसगढ़ की खबरें

क्रॉस वोटिंग के बाद भी जीते पटेल
गुजरात राज्यसभा चुनाव

अमित शाह की साख का सवाल बने गुजरात राज्यसभा चुनाव में आखिरकार उन्हें अहमद पटेल के हाथों शिकस्त झेलनी पड़ी। लाख कोशिशों और कांग्रेस विधायकों की क्रॉस वोटिंग के बावजूद अहमद पटेल को जरूरी वोट मिल गए और देर रात वो पांचवीं बार राज्यसभा के लिए चुन लिए गए।

मंगलवार को हुए चुनाव हाई वोल्टेज ड्रामे में बदल गए। कांग्रेस के दो बागियों द्वारा वोट भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को दिखाए जाने पर कांग्रेस ने बवाल मचा दिया। चुनाव आयोग ने कांग्रेस की शिकायत पर रात 11.30 बजे दोनों वोट रद्द करते हुए मतगणना का आदेश दिया गया, लेकिन रात 1.30 बजे तक गांधीनगर में मतगणना शुरू नहीं हो सकी। अमित शाह खुद मतगणना स्थल पर डटे रहे। भाजपा नेताओं की मांग है कि उनकी शिकायत पर भी चुनाव आयोग सुनवाई करे। वह वीडियो सीडी सार्वजनिक की जाए, जिसके आधार पर दो वोट रद्द किए गए हैं।

176 वोट पड़े, आयोग ने 2 रद्द किए

1 सीट जीतने के लिए चाहिए 44

कांग्रेस के पास थे 44 वोट, एक ने क्रॉस वोटिंग की, शेष रहे 43

जदयू के छोटू वसावा ने पटेल को वोट देने का दावा किया। 

भाजपा 121 विधायकों, 7 बागियों व अन्य के बल पर अमित शाह व स्मृति ईरानी की तय जीत के अलावा तीसरे प्रत्याशी बलवंत सिंह राजपूत को भी जीताना चाहती थी। दो वोट रद्द होने से भाजपा का गणित गड़बड़ाया और अहमद पटेल का पलड़ा भारी हो गया। बवाल की यही जड़ मानी जा रही थी।

10 विधायकों ने की क्रॉस वोटिंग

कांग्रेस के सात बागियों के अलावा राकांपा के दो और जदयू के एकमात्र विधायक छोटू वसावा ने दूसरे दलों को वोट दिए। जबकि एक निर्दलीय सोमवार रात ही भाजपा में शामिल हो गए थे।

कांग्रेस को नहीं दिया वोट : वाघेला

मतदान के बाद वाघेला ने कहा कि कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से निकाल दिया, इसलिए अपने अजीज मित्र अहमद पटेल को वोट देने का कोई मतलब नहीं है। कांग्रेस डूबती नाव है, अहमद पटेल चुनाव हारने वाले हैं इसलिए अपना वोट खराब नहीं करूंगा।

राघवजी पटेल (58 वर्ष): कभी भाजपा, कभी कांग्रेस

ये जामनगर ग्रामीण से निर्वाचित होकर विधानसभा पहुंचे हैं। ये लेउवा पाटीदार हैं, जिन्होंने 1978 से राजनीति शुरू कर दी थी। हालांकि अपना पहचा चुनाव सन् 2000 में जसदन तालुका पंचायत से लड़ा था। इसके बाद पांच बार विधायक रहे। इसमें दो बार भाजपा के टिकट से मिली जीत शामिल है। इन्होंने मंत्री नहीं बनाए जाने से खफा होकर भाजपा छोड़ दी थी। 2007 और 2012 में कांग्रेस के टिकट से विधायक रहे। अब इनका मानना है कि पाटीदार गुजरात की राजनीति को बदल सकता है। इन पर दो आपराधिक केस हैं। दोनों ही मामले कोर्ट मे लंबित हैं। पिछले हलफनामे के मुताबिक, इनकी कुल संपत्ति 4.66 करोड़ है।

भोलाभाई गोहेल (42 वर्ष): फोन आया और हो गए लापता

ये जसदन से विधायक हैं और कोली समाज से हैं। इन्होंने रूरल स्टडीज में डिग्री हासिल की है। भोलाभाई ने पिछले माह ऐलान किया था कि वे इस साल के आखिरी में होने वाले चुनाव नहीं लड़ेंगे। राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने अपने कुछ विधायकों को बागी होने से बचाने के लिए राजकोट के नील सिटी क्लब में रखा था, लेकिन भोलाभाई वहां से निकल आए थे। बताते हैं कि तब उनके पास किसी का फोन आया था। इसकी भनक लगने के बाद कांग्रेस ने कहा था कि भोलाभाई लापता है और उसकी सूचना देने वाले को ईनाम दिया जाएगा। भोलाभाई पर कोई आपराधिक केस नहीं है। उनकी कुस संपत्ति 26.85 लाख है।

 

MadhyaBharat 9 August 2017

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 2842
  • Last 7 days : 18353
  • Last 30 days : 71082

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

All Rights Reserved ©2017 MadhyaBharat News.