Since: 23-09-2009

  Latest News :
अनुसुइया उइके छत्‍तीसगढ़ की राज्‍यपाल.   इमारत ढहने से 12 लोगों की मौत .   चंद्रयान-2 की उलटी गिनती शुरू .   येदियुरप्पा शक्ति परीक्षण के लिए तैयार.   राफेल और सुखोई बरपाएंगे कहर.   यूपी रोडवेज की बस नाले में गिरी.   कारगिल वार की कहानी पाठ्यक्रम से बाहर.   फ्लोर मैनेजमेंट माहिर सीएम के साथ विधायक.   ग्रीनबेल्ट की जमीन पर बनी इमारत गिराई .   आखँ खोल कर देखें सीएम साहब शायद शर्म आए.   सीएम को बम से उड़ने की धमकी .   लापरवाह पुलिस :अगवा मासूम की हत्या.   होटलों में जिस्मफरोशी का धंधा.   पूर्व MLA की नक्सलियों ने की हत्या.   अविश्वास प्रस्ताव पर भाजपा में सहमति नहीं.   दो गांजा तस्कर पकडे गए .   आरक्षक का शव मिलने से सनसनी .   पांच लाख का इनामी नक्सली हुर्रा ढेर.  
छत्तीसगढ़ का कैदी हथकड़ी खोलकर भागा
छत्तीसगढ़ का कैदी हथकड़ी खोलकर भागा

हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर बुधवार तड़के अफरा- तफरी मच गई। जब भोपाल जिला न्यायालय में छतीसगढ़ के दुर्ग जिले से पेशी पर आया धोखाधड़ी का आरोपी, तीन पुलिस कर्मियों को चकमा देकर हथकड़ी खोलकर फरार हो गया।

घटना के बाद बंदी के फरार होने के बाद तीनों पुलिस कर्मी आठ घंटे तक आरोपी की खुद ही तलाश करते रहे , लेकिन जब आरोपी के बारे में कोई सुराग नहीं मिल पाया तो पुलिस कर्मियों ने हबीबगंज जीआरपी थाने पहुंचकर पूरे घटनाक्रम की सूचना दी । घटनाक्रम की जानकारी लगने के बाद पुलिस ने सबसे पहले सीसीटीवी फुटेज देखे जिसमें आरोपी नजर नहीं आ रहा है। जीआरपी पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर आसपास के थानों को सूचना दी।

हबीबगंज जीआरपी थाना प्रभारी बीएल सेन के अनुसार दुर्ग पुलिस के आरक्षक सर्वेश कुमार पांडे , हेमंत कुमार और अर्जुन दुर्ग छतीसगढ़ से धोखाधड़ी के आरोपी अमित श्रीवास्तव पिता रामलाल श्रीवास्तव (45) को मंगलवार को भोपाल आए थे। जहां कोर्ट पेश करने के बाद उसको वापस दुर्ग छतीसगढ़ जाना था। इसके वह हबीबगंज प्रतीक्षालय में ठहरे थे। ट्रेन लेट होने के बाद काफी देर तक वह प्रतीक्षालय में आराम कर रहे थे। अमित भी उनके साथ ही बैठा था।

अमित श्रीवास्तव बार- बार बाथरूम जाने की बात पुलिसकर्मियों से कर रहा था। रात में दो - से तीन बार वह बाथरूम गया तो पुलिसकर्मियों ने उसको साथ ले गए। इसके बाद पुलिस कर्मियों ने आंख लग गई। इस दौरान आरोपी ने कब हथखड़ी खोल ली और पुलिस कर्मियों को चकमा देकर प्रतीक्षालय से फरार हो गया। हालांकि सूत्रों की मानें तो पुलिस कर्मियों ने रात में उसके बार- बार बाथरूम जाने के कारण उसकी हथकड़ी खुद ही खोल दी थी। जिसका फायदा उठाकर वह फरार हो गया।

बीएस सेन की मानें तो बुधवार तड़के चार से साढ़े चार बजे के बीच आरोपी प्रतीक्षालय से फरार हुआ है, उसके बाद आठ घंटे तक छतीसगढ़ पुलिसकर्मी उसको खुद ही तलाशते रहे है। उन्होंने उसकी तलाश के बाद दोनों तरफ के प्लेटफार्म और बाहर भी तलाश की , जब वह नहीं मिला तो उसके बाद उसकी शिकायत दोपहर दो बजे के करीब शिकायत करने पहुंचे थे। उसके बाद आसपास के थानों को सूचना देकर आरोपी का फोटो भेजा गया है।

छतीसगढ़ दुर्ग से आए तीनों पुलिस कर्मी आरोपी अमित श्रीवास्तव के पुलिस कस्टडी से फरार होने के बाद बयान पूरे हुए बिना ही अमरकंटक एक्सप्रेस से दुर्ग के लिए रवाना हो गए थे। जब घटना की जानकारी लगने के बाद जीआरपी एसपी रूचिवर्धन मिश्रा ने हबीबगंज के जीआरपी एसआई से जानकारी तो तीन पुलिस कर्मियो के बयान पूरे न होने की जानकारी हुई। उसके बाद तीनों पुलिस कर्मियों को संपर्क कर जीआरपी थाने दोबारा बुलाया गया।

प्रभारी एसपी दुर्ग शशिमोहन सिंह ने बताया कि तीनों पुलिस कर्मियों को उनके दुर्ग पहुंचते ही निलंबन के आदेश की कॉपी मिल जाएगी। फिलहाल उनको निलंबित किया जा चुका है। उनके खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू की जाएगी।

 

MadhyaBharat 4 January 2018

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 2183
  • Last 7 days : 12598
  • Last 30 days : 39041


All Rights Reserved ©2019 MadhyaBharat News.