Since: 23-09-2009

  Latest News :
समुद्र तट पर PM मोदी का स्वच्छता अभियान.   भागवत का मुसलमानों को लेकर बड़ा बयान.   सात नक्सलवादियों ने किया आत्मसमर्पण.   पुलि स्टेशन में पहुंचा जुएं बीनने वाला बंदर .   भागवत ने की मोदी सरकार की तारीफ़.   अब असदुद्दीन ओवैसी के निशाने पर आयी कांग्रेस.   सड़क पर तफरी कर रहा था मगरमच्छ.   पार्टी में नहीं है गुटबाजी,कांग्रेस जीतेगी उप चुनाव.   ट्वीट कमलनाथ पर दबाव बनाने के लिए.   सज्जन वर्मा:मोदी और भागवत का झगड़ा होगा.   मंदी के दौर को केंद्र सरकार अनुभव करे.   बैरागढ़ में 533 लोगों ने किया रक्तदान.   लखमा ने की रमन सिंह के नार्को टेस्ट की मांग.   झीरम घाटी कांड लखमा की भूमिका की जाँच हो.   इनामी नक्सली माड़वी गंगी ने किया समर्पण.   खाई में गिरी बस पेड़ से टकरा कर रुकी.   पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में हुआ एक नक्सली ढेर.   हल्ला बोलकर ग्रमीणों ने हाथियों को खदेड़ा.  
मंत्री ने किया तहसीलदार को सस्पेंड
govind singh


तहसीलदारों ने मंत्री के खिलाफ मोर्चा खोला 

राजस्व मंत्री  गोविंद सिंह राजपूत ने सीहोर तहसील का अचानक  निरीक्षण किया यहाँ राजस्व मंत्री न केवल राजस्व न्यायालय की गरिमा के विरूद्ध तहसीलदार की डायस पर बैठे, बल्कि यहीं से लापरवाही के आरोप लगाते हुए तहसीलदार सुधीर कुशवाह को सस्पेंड किया राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और उनके ओएसडी कमल नागर के इस रवैए को लेकर मध्यप्रदेश राजस्व अधिकारी संघ काफी नाराज है | अब संघ के लोग अलग अलग जगह मंत्री गोविन्द सिंह के बर्ताव की शिकायत कर रहे हैं |
राजस्व अधिकारी संघ का आरोप है कि राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत सत्ता के नशे में मंगलवार को सीहोर में राजस्व न्यायालय की गरिमा भूल गए इसमें सबसे खास बात यह रही कि उनके ओएसडी कमल नागर ने भी न्यायालय के सम्मान को बचाने का प्रयास नहीं किया, जबकि नागर राज्य प्रशासनिक सेवा के अफसर हैं |अब इस मामले में राजस्व अधिकारी संघ ने राजस्व मंत्री राजपूत के साथ उनके ओएसडी कमल नागर को भी घेरना शुरू कर दिया है  | बुधवार को प्रभारी मंत्री आरिफ अकील को भोपाल में इस सिलसिले में ज्ञापन दिया गया | राजस्व अधिकारी संघ ने बताया कि 25 जून को राजस्व मंत्री द्वारा अपने सहयोगियों के साथ तहसील सीहोर में तहसीलदार न्यायालय का औचक निरक्षण किया | निरीक्षण के दौरान न्यायालय की गरिमा के विपरीत तहसीलदार न्यायालय के डायस पर स्वत: बैठ गए एवं अन्य अनाधिकृत, गैर न्यायायिक अधिकारी एवं अन्य व्यक्ति भी न्यायालय के डायस पर बैठकर राजस्व न्यायालय की गरिमा को आहत किया है | सार्वजनिक तौर पर राजस्व मंत्री ने तहसीलदार पद को भ्रष्ट कहा  यह तहसीलदार संस्था के सम्मान, स्वाभिमान और गरिमा पर गंभीर आघात है | विधि द्वारा सु-स्थापित न्यायालय के डेकोरम को भंग करने की सम्पूर्ण गतिविधि सार्वजनिक हो चुकी है  जिससे स्पष्ट है कि न्यायालय का अस्तित्व विभाग के मंत्री द्वारा ही समाप्त किया जा रहा है  इधर राजस्व मंत्री गोविन्द सिंह खुद की कार्यवाही को ठीक बता रहे हैं
इस बीच सीहोर कलेक्टर अजय गुप्ता ने प्रदेश के राजस्व मंत्री गोविन्द राजपूत के इस आदेश को मानने से साफ इंकार कर दिया है कि सीहोर के तहसीलदार सुधीर कुशवाह भ्रष्ट हैं, इसलिए उन्हें निलंबित करने का प्रस्ताव भेजा जाए | कलेक्टर का कहना है कि तहसीलदार को निलंबित करने का अधिकार राज्य शासन को है | मंत्री जी चाहें तो इस संबंध में प्रमुख सचिव राजस्व को कार्यवाही के लिए लिख सकते हैं | राजस्व अधिकारी संघ ने तहसीलदार के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई होते ही अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाने की घोषणा की है |

 

MadhyaBharat 26 June 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 5924
  • Last 7 days : 33929
  • Last 30 days : 111788


All Rights Reserved ©2019 MadhyaBharat News.