Since: 23-09-2009

  Latest News :
बीजेपी नेता अरुण जेटली का 66 वर्ष की आयु में निधन .   पी चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से फिलहाल राहत नहीं.   पहला राफेल 20 सितंबर को पहुंचेगा भारत.   मनमोहन सिंह का मोदी सरकार पे निशाना .   शादी की पार्टी में धमाका 63 की मौत.   भारत और भूटान के लोगों में बहुत जुड़ाव.   बारिश से बैतूल-भोपाल के बीच सड़क संपर्क टूटा.   धूम धाम से मनाई गई कृष्ण जन्माष्ठमी .   शहर को स्वच्छ रखने चलेगा ग्रीन गणेश अभियान .   अंतिम संस्कार के लिए ग्रामीण हो रहे हैं परेशान .   श्रीकृष्ण रूप में सजीं माता त्रिपुर सुंदरी.   धूम धाम से मनाई गई गोपाल मंदिर में जन्माष्टमी.   नक्सलियों के प्लांट किए बम हुए बरामद .   बस में लगी आग,बस जलकर हुयी खाक .   इनामी नक्सली दंपती ने किया समर्पण .   पूर्व CM रमन सिंह के बेटे के खिलाफ एफआईआर .   स्वतंत्रता संग्राम सेनानी कन्हैया लाल अग्रवाल हुआ सम्मान .   घटिया निर्माण से नहर लाइनिंग धसी.  
अच्छी बारिश के लिए अनुष्ठान

मेंढक-मेंढकी की हुई  शादी

धूमधाम से  निकाली मेंढक की बारात 

 

एक तरफ तो देश के कई हिस्सों में  बारिश के चलते जान जीवन अस्त वयस्त हुआ है वही दूसरी तरफ मध्यप्रदेश के सिवनी जिले में अब  तक बारिश ने दस्तक नही दी है  तेज गर्मी से शहरी इलाकों  में बुरा हाल है तो वही दूसरी तरफ ग्रामीण अंचलों में बारिश के इंतज़ार में  किसान का बुरा  हाल हो चुका है  इस कारण कहीं अनुष्ठान किये जा रहे हैं तो कहीं मेंढक मेंढकी की शादी   

बारिश के न होने के चलते मध्यप्रदेश के सिवनी नगर के ढीमर समाज ने मछली मार्किट बन्द कर बारिश के लिए सिवनी नगर में  बारात निकालकर मेंढक-मेंढकी की शादी कराई, साथ ही मठ मंदिर में अनुष्ठान भी किया  इस आयोजन के पीछे मान्यता है कि मेंढक-मेंढकी की शादी कराने से इंद्रदेव प्रसन्न हो जाते है जिससे अच्छी बारिश होती है  

अच्छी बारिश की कामना के साथ  समाज के ही कुछ छोटे बच्चों को नग्न अवस्था में  घुमाया गया  इन बच्चों और  मेंढक के साथ पूरे क्षेत्र वासियो ने पहले पूजा-अर्चना की  और फिर  मेंढक की बारात निकाली गई   यह बारात  शहर के विभिन्न क्षेत्रों में पहुची जिसके बाद वापस  मंदिर पहुचकर समाज के लोगो ने पूजा अर्चना कर अनुष्ठान किया  बारात से लेकर मंदिर पहुंचते तक लोग  मेंढक-मेंढकी को पानी भी पिलाते रहे  ताकि वे जिंदा रह सके और उनकी शादी हो सके  मेंढक को तरसा-तरसा कर पानी पिलाने के पीछे मान्यता है कि मेंढक जितना तड़पते हैं, भगवान इंद्र देव को उतना ही दर्द होता है   मेंढक की इस तड़पन को दूर करने के लिए भगवान इंद्रदेव बारिश करने लगते हैं 

 

MadhyaBharat 22 July 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 2183
  • Last 7 days : 12598
  • Last 30 days : 39041


All Rights Reserved ©2019 MadhyaBharat News.