Since: 23-09-2009

  Latest News :
डकैत बबुली को पुलिस ने नहीं उसके साथी ने ही मारा.   लड़ाकू विमान तेजस में उड़े रक्षामंत्री राजनाथ सिंह.   अयोध्या मसले पर 18 अक्टूबर तक पूरी हो सुनवाई.   क्या अब मुख्यमंत्री कमलनाथ जायेंगे जेल.   बालाकोट में सीजफायर का किया उल्लंघन.   अठावले की पकिस्तान को नसीहत .   मंत्री श्री शर्मा ने सफाई दिवस पर लगाई झाड़ू.   संत हिरदाराम जी की कुटिया में जनसंपर्क मंत्री श्री शर्मा ने लिया आशीर्वाद.   मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ द्वारा जबलपुर में पोषण आहार प्रदर्शनी का अवलोकन.   प्रदेश में चिकित्सा क्षेत्र में उच्च-स्तरीय सुविधाएँ विकसित की जाएंगी.   भाजपा ने दिया कांग्रेस भगाओ प्रदेश बचाओ का नारा.   शिक्षिकाओ ने DPC के खिलाफ थाने में दर्ज कराई शिकायत.   छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा मंत्री का बेतुका बयान.   गौठान में गायों की मौत के बाद शुरू हुई सियासत.   युवाओं को नशे से बचाने के लिए अभियान.   केएसके बिजली उत्पादक कंपनी में ताला.   अपनी ही सरकार के खिलाफ उद्योग मंत्री लखमा.   बस्तर मे बाहरी नक्सलियों का जमावाडा.  
एमपी में कुछ जगह भारी बरसात की चेतावनी
 WEATHER MP

एक साथ तीन मानसूनी सिस्टम हुए सक्रिय

 

तीन मानसूनी सिस्टम के सक्रिय होने के साथ ही बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से आ रही हवाओं का मध्यप्रदेश के ऊपर टकराव  हो रहा है  |  इस वजह से शुक्रवार रात से पूरे प्रदेश में झमाझम बारिश हो रही है  | मौसम विज्ञानियों ने भोपाल, उज्जैन, इंदौर, होशंगाबाद संभाग और हरदा जिले में भारी बारिश की चेतावनी दी है  |  इसके अलावा ग्वालियर, जबलपुर, नरसिंहपुर, सतना, रीवा, सिंगरौली में तेज बौछारें पड़ने की संभावना जताई है  | इस दौरान नदी नाले लबालब हो गए हैं और जगह जगह बांधों के गेट खोलना पड़ गए हैं |  

अगले छतीस घंटों तक मध्यप्रदेश का मौसम ऐसा ही बना रहेगा  |  कुछ इलाकों में तेज तो कहीं मध्यम बारिश हो रही है भोपाल में भदभदा और कलियासोत डेम के गेट कगोल्ने और बंद होने का सिलसिला चल रहा है  |  वहीँ इटारसी में तवा डेम के  सभी 13 गेट खोले गए  |  प्रत्येक गेट  को 14- 14 फीट खोलकर 2 लाख छियानबे  हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है  | 3 साल बाद तवा डेम के सभी गेट खोले गए हैं   | तवा के गेट खुलने से नर्मदा का जल स्तर बढ़ना शुरू हो गया है  | इस समय प्रदेश के तक़रीबन अधिकांश तालाब और बांध लबालब हो गए हैं |  वरिष्ठ मौसम विज्ञानी उदय सरवटे ने बताया कि वर्तमान में ओडिशा कोस्ट पर एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है  |   इस सिस्टम में पिछले दिनों विदर्भ पर सक्रिय ऊपरी हवा का चक्रवात भी शामिल हो गया है| 

मानसून ट्रफ रीवा से होकर बंगाल की खाड़ी तक जा रहा है  |  इसके अतिरिक्त गुजरात के दक्षिणी भाग पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है  |  इस सिस्टम के कारण अरब सागर से बड़े पैमाने पर नमी के आने का सिलसिला जारी है |  ओडिशा कोस्ट पर बने सिस्टम और गुजरात पर बने चक्रवात के कारण बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से आ रही हवाओं का मप्र के ऊपर टकराव हो रहा है  |  शुक्रवार रात के बाद से बनी इस स्थिति के कारण ही पूरे प्रदेश में तेज बौछारें पड़ने का सिलसिला शुरू हो गया  |  इस तरह की स्थिति अभी 2-3 दिन तक बनी रह सकती है  |  इस दौरान कहीं-कहीं भारी बारिश होने की भी आशंका है  | 

 

MadhyaBharat 25 August 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 4610
  • Last 7 days : 21056
  • Last 30 days : 91930


All Rights Reserved ©2019 MadhyaBharat News.