Since: 23-09-2009

  Latest News :
चीन में दिखी इंसानी चेहरे वाली मछली.   सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में दो आतंकी किए ढेर.   पूर्व चुनाव आयुक्त टीएन शेषन का निधन.   बांदीपोरा में सुरक्षा बलों ने 2 आतंकियों को मार गिराया.   राजनाथ बोले -अब यूनिफॉर्मसिविल कोड का समय.   गुंडागर्दी को लेकर कोंग्रेसी आईजी से मिले.   गांधी परिवार की SPG सुरक्षा पर जनहित याचिका.   नर्मदा नदी में लाखों लोगों ने किया स्नान.   "बहुलक:दि पॉलीमर" को अंतराष्ट्रीय उत्सव में पुरस्कार.   सरेआम स्मैकची हिस्ट्रीशीटर की हत्या.   बैंडबाजे के साथ निकली बछड़े की बारात.   कमलनाथ का दंडवत करने वाला मंत्री.   तस्करों से दो दुर्लभ पैंगोलिन जब्त,एक की मौत.   दस नक्सलवादियों ने किया आत्मसमर्पण.   किसानों के समर्थन में कांग्रेसियों का प्रदर्शन.   कांग्रेस के खतरनाक विधायक हैं संतराम.   केंद्र छत्तीसगढ़ सरकार को बदनाम कर रहा है .   3 लाख के इनामी नक्सली ने किया आत्मसमर्पण.  
केएसके बिजली उत्पादक कंपनी में ताला

चार हजार से अधिक लोग हुए बेरोजगार

दो सौ मेगावाट बिजली की सप्लाई कर रही थी

 

छत्तीसगढ़ में 36 सौ मेगावाट बिजली का उत्पादन करने वाली निजी कंपनी केएसके महानदी पॉवर कारपोरेशन  लिमिटेड  में तालाबंदी हो गई है | यह कंपनी उत्तर प्रदेश को सर्वाधिक 200 मेगावाट और आंधप्रदेश व तमिलनाडु को पांच-पांच सौ मेगावाट बिजली की आपूर्ति कर रही थी  | कंपनी में तालाबंदी से साढ़े तीन हजार से अधिक श्रमिक व कर्मचारी एक झटके में बेरोजगार हो गए हैं | प्रबंधन ने तालाबंदी की वजह कर्मचारी संगठनों के आंदोलन को बताया है |

जांजगीर के नरियरा  में  केएसके महानदी पॉवर कारपोरेशन  लिमिटेड  में बढ़ते झगड़ों की वजह से तालाबंदी हो गई है  |  यहां भारतीय मजदूर संघ और यूनाईटेट मजदूर संघ् के बीच वेतन वृद्धि विवाद को लेकर  विवाद चल रहा था | जिसके चलते  11 सितंबर से उत्पादन बाधित था | 36 सौ मेगावाट के इस प्लांट में वर्तमान में 14 सौ मेगावाट विद्युत का उत्पादन हो रहा था |  यहां से ग्रिड के माध्यम से आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु, उत्तरप्रदेश के अलावा इस छत्तीसगढ़ में बिजली की आपूर्ति की जा रही थी  | मंगलवार सुबह कर्मचारी व श्रमिक जब कंपनी पहुंचे तो मेन गेट पर लाकआउट का नोटिस चस्पा मिला |  प्रबंधन ने इसके लिए मजूदर संघ पर अधिकारी-कर्मचारियों के साथ मारपीट और बहुसंख्य मजदूरों द्वारा टूलडाउन किए जाने तथा दो श्रमिक संगठनों द्वारा विवाद को जिम्मेदार बताया है  |प्रबंधन ने लाकआउट का कारण यह भी बताया है कि इस गैर कानूनी हड़ताल से कंपनी को बड़ा नुकसान हुआ है और बिजली खरीदने वाले उपभोक्ताओं को परेशानी हुई है, इसलिए औद्योगिक विवाद अधिनियम 1947 की  धारा 24(3) के तहत लाकआउट किया गया है  | केएसके महानदी पॉवर प्लॉट मे ताला लगने से  4000 अधिकारी, कर्मचारी सहित भूविस्थापितों पर बेरोजगारी का खतरा मंडरा रहा है |  तालाबंदी से अचानक 15 सौ मगावाट बिजली उत्पदान ठप्प हो गया है | इससे  5 राज्यों को होने वाली बिजली सप्लाई बाधित हुई है |  इस संयंत्र मे 3500 स्थानीय भू विस्थापितों के साथ 500 के करीब अधिकारी कर्मचारी कार्यरत हैं  | इस मामले मे प्रबंधन की ओर कोई चर्चा के लिए सामने नही आया वहीं कर्मियों ने बताया कि वेतन और प्रमोशन को लेकर विवाद चल रहा था जिसके बाद  प्रबंधन के द्वारा यह कदम उठाया गया है |

MadhyaBharat 18 September 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 1412
  • Last 7 days : 26708
  • Last 30 days : 107828


All Rights Reserved ©2019 MadhyaBharat News.