Since: 23-09-2009

  Latest News :
शशि थरूर:नागरिकता देने में कम है राज्यों की भूमिका.   PM मोदी ने छत्तीसगढ़ पुलिस ऑनलाइन व्यवस्था की प्रशंसा की.   कंगना:निर्भया के दरिंदों को चौराहे पर फांसी दी जाए.   मोदी सरकार को बजट से पहले एक और झटका .   CAA पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट का इंकार.   हत्या कर महिला और पुरुष को घर में जलाया.   कलेक्टर केवीएस चौधरी ने ली परेड की सलामी.   अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के बुरे हाल.   विधायक योगेंद्र सिंह बाबा ने ली परेड की सलामी.   यूनिक गर्ल्स कॉलेज ने निकाला गड़तंत्र दिवस पर रैली.   रिश्वत लेते 2 आरक्षकों का वीडियो वायरल.   15 साल में बढ़े है माफिया सभी माफियाओं पर हुई कार्यवाई.   सिंहदेव ने अम्बिकापुर मे ध्वजारोहण किया.   मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया जगदलपुर में ध्वजारोहण.   छत्तीसगढ़ सीएम भूपेश बघेल का ऐलान.   उद्योगपति प्रवीण सोमानी को छुड़ाया गया.   मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई बजट पर बैठक.   छात्रों को पीएम का संबोधन लाइव दिखाया गाया.  
धान की फसल पर आए आफत के बादल
  KISHAN

एक चक्रवात ने पूरे छत्तीसगढ़ को भिगोया

 

एक चक्रवात ने पूरे छत्तीसगढ़ को भिगो दिया है  | बारिश ख़त्म होने के बाद की इस बारिश और मौसम से धान की फसल पर आफत के बादल मंडरा रहे हैं  

उत्तर प्रदेश के ऊपर  बना चक्रवाती घेरा इतना प्रभावशाली है कि उसने पूरे छत्तीसगढ़  को तरबतर कर दिया है  |  प्रदेश का कोई भी जिला ऐसा नहीं हैं, जहां पर मध्यम से भारी और हल्की बूंदाबांदी न हुई हो  |  शनिवार और रविवार को कई इलाकों म हुई बारिश से धान का किसान परेशान है  |  इस मौसम ने धान के खेतों पर संकट के बादल ला दिए हैं  |   मौसम विभाग ने शनिवार को ही पूर्वानुमान जारी कर दिया था कि शाम होते होते बादल छाएंगे और बरसेंगे   | प्रदेश का मौसम बदलना शुरू हुआ और देखते ही देखते काले घने बादलों ने डेरा जमा लिया  | उसके बाद बारिश ने छत्तीसगढ़ की धरती को भिगो दिया  |  मौसम विभाग यह भी कह रहा है कि पूर्वी हवा जब तक आती रहेंगी, तब तक बारिश होती रहेगी  |  धमतरी से लेकर डोंगरगढ़ तक फसल तेज हवा और मूसलाधार बारिश के कारण जमीन पर लोट गई |  बेमेतरा जिले में कमोबेश यही स्थिति सोयाबीन फसल की है  |   बालोद जिले के दल्ली राजहरा में बारिश से तीन कच्चे मकान ढह गए  |  इधर दुर्ग और भिलाई में शाम को झमाझम बारिश के कारण बाजार क्षेत्रों के अलावा तमाम प्रमुख चौराहों पर भी पानी भर गया  |  इस बारिश से धान की सूख रही फसल एक बार फिर खतरे में आ गई   | इस कारण छत्तीसगढ़ के किसान बेहद परेशान हैं  | किसानों का कहना है अगर बारिश का दौर ऐसा ही चला तो धान की फसल बर्बाद हो जाएगी  | 

 

MadhyaBharat 21 October 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 6821
  • Last 7 days : 29690
  • Last 30 days : 145004


All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.