Since: 23-09-2009

  Latest News :
राहुल गाँधी :किसानों का कर्ज माफ होकर रहेगा.   RBI का अलर्ट अभी और बिगड़ेंगे आर्थिक हालात.   कर्नाटक विधानसभा उपचुनाव के नतीजे घोषित.   हैण्डलूम एक्सपोर्ट कार्पोरेशन ने भुगतान रोका.   यूपी में 218 फास्ट ट्रैक कोर्ट को मंजूरी.   पीड़ित परिवार को मिले 25 लाख, बहन को नौकरी.   नहीं खत्म हुआ यूरिया का संकट,किसान परेशान .   फिर बीजेपी जिलाध्यक्ष बने वीरेंद्र गोयल.   किसानों के लिए टमाटर घाटे का सौदा.   नागरिकता बिल पास होने मनाई खुशियां.   डिप्टी रेंजर और वन रक्षक पर हमला.   खरगोन में हुई अनूठी शादी नहीं हुए सात फेरे.   दो युवतियों की जघन्य हत्या .   किसानो ने किया सीएम भूपेश बघेल का पुतला दहन.   युवक ने किया सरेआम महिला पर हँसिये से हमला.   दुष्कर्मी को पीटने कोर्ट परिसर में दौड़ीं महिलाएं.   ITBP जवान ने साथी पर की फायरिंग 6 की मौत.   नक्सली DKMS अध्यक्ष सन्ना हेमला हुआ सरेंडर.  
संझा लोकस्वामी पर सरकार का एक्शन

सरकार के गले की हड्डी बना हनीट्रैप मामला

सोनी पर आईटी एक्ट सहित पांच एफआईआर

विजयवर्गीय:सरकार के बड़े लोग शामिल है

अधिकारी और मंत्री भी हनीट्रैप में शामिल

 

 

हनीट्रैप मामले में कुछ बड़े खुलासे कर रहे अखबार संझा लोकस्वामी के कर्यालय को सील किये जाने के कमलनाथ सरकार के फैसले की हर तरफ आलोचना हो रही है  | माना जा रहा है सरकार से जुड़े कुछ बड़े लोगों के नामों का यह अखबार खुलासा करने वाला था इसलिए समाचार पत्र के मालिकान पर कई मामले दर्ज कर दिए गए  | इंदौर प्रेस क्लब और बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने पुलिस प्रशासन की कार्यवाही की  निंदा की है  | 

हनी ट्रैप को लेकर उजागर हो रहे फुटेज के मामले में  संझा लोकस्वामी  समूह के कई प्रतिष्ठानों, ऑफिस व घर पर छापे मारने के साथ  इंदौर के चार थानों में पांच एफआईआर दर्ज कर ली गई   |  इसमें मानव तस्करी, अवैध कारतूस, नौकर व कर्मचारियों की जानकारी छुपाने और आईटी एक्ट की धाराएं लगाई गई हैं  |  पुलिस ने समूह के  प्रमुख जीतू सोनी के बेटे अमित सोनी को गिरफ्तार कर लिया है  इंदौर पुलिस और अन्य विभागों की इस पूरी  कार्रवाई को हनी ट्रैप कांड से जोड़कर देखा जा रहा है   |  हनीट्रैप गैंग से जुड़े अधिकारी हरभजन सिंह ने शाम को संझा कोकस्वामी की शिकायत और कई विभागों ने कुछ ही देर में इस कार्यवाही को अंजाम दे दिया  | जो आदमी खुद इस पूरे काण्ड में संदिग्ध है उसकी शिकायत पर सरकार का यह एक्शन बताता है दाल में कुछ काला है  लोकस्वामी और उसके मालिकों के अन्य संस्थानों  के दफ्तर पर  सैकड़ों पुलिसकर्मियों ने एक साथ छापा मारा था  |  एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है   | 

इस मामले में मध्यप्रदेश सरकार कटघरे में नजर आ रही है  |  सवाल यह भी उठाया जा रहा है कि लोकस्वामी अखबार ऐसा क्या खुलासा करने वाला था जिससे सरकार इस कदर भयभीत थी की उसको कुछ ही घंटे में इस कार्यवाही को अंजाम देना पड़ा  |  इंदौर प्रेस क्लब ने भी इस मसले पर सरकार को खरी खरी सुनाई है और लोकस्वामी अखबार पर की सरकारी तालाबंदी की कड़ी आलोचना की है  | बीजेपी के मासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी इस मामले पर सरकार की कार्यप्रणाली पर आरोप लगाए और कहा की हमें जानकारी है की इस मामले में सरकार के कुछ बड़े अफसरों और मंत्रियों के नाम आना थे  | 

हनीट्रैप मामला अब कमलनाथ सरकार के लिए ही मुसीबत का सबब बनता जा रहा है  | इस मामले की जांच के साथ यह तथ्य सामने आये कि हनीट्रैप गैंग  में शामिल महिलाओं ने अपने हुस्न जाल में फंसाकर 90 से ज्यादा बड़े लोगों के वीडियो बनाये और उनके राज उगलवा कर उनसे रकम और ठेके हांसिल किये   इस मसले पर सोशल मीडिया पर मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार को आपातकाल वाली सरकार की संज्ञा दी जा रही है जिसने पहले भी मीडिया का गला घोंटने का काम किया था  | 

 

MadhyaBharat 2 December 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 5596
  • Last 7 days : 32148
  • Last 30 days : 146931


All Rights Reserved ©2019 MadhyaBharat News.