Since: 23-09-2009

  Latest News :
वर्चस्व के लिए कांग्रेस के नेता आपस में भिड़े.   बरेली को आखिर मिल गया अपना झुमका.   शाहहिं बाग़ पर सुप्रीम कोर्ट की दो टूक .   दिल्ली Exit Poll में कांग्रेस के बुरे हाल.   पद्मश्री से सम्मानित गिरिराज किशोर का निधन.   डंडामार पर बोले मोदी- मेरे पास जनता का कवच.   लक्ष्मण सिंह ने कहा कंप्यूटर बाबा फर्जी.   हाथों में आकाश उठाएं धरती बाधे पांव में.   स्वच्छता अभियान कोडिनेटर नीलम तिवारी गिरफ्तार.   सिंधिया समर्थकों ने भी खोला मोर्चा.   राष्ट्र निर्माण में युवाओं की भूमिका पर कार्यक्रम.   वन विभाग जहाँ मुर्दे भी करते हैं हस्ताक्षर.   अस्पताल से छह दिन का बच्चा चोरी.   जवानों ने बरामद किया प्रेशर आईईडी बम.   अस्तित्व में आया गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला.   CM भूपेश ने बच्चों से कहा डर छोड़कर साहसी बनें.   अबूझमाड़ पीस हाफ मैराथन का किया गया आयोजन.   छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा.  
छत्तीसगढ़ में 16 साल बाद लौटा बैलट पेपर

बुजुर्गों ने नई पीढ़ी को दिया जागरूकता का संदेश

मतगणना के बाद 2840 नए पार्षद चुन कर आएंगे

 

छत्तीसगढ़ राज्य के गठन के बाद पहली बार बैलेट पेपर से मतदान हुआ   | नगरीय निकाय चुनाव में इस बार बैलेट पैपेर करीब 16 साल बाद वापस चुनाव प्रक्रिया में लौट कर आया है  | पूरी एक पीढ़ी नई आने के बाद यह व्यवस्था इस बार फिर चुनाव प्रक्रिया में अपनाई गई  | बैलेट पेपर से वोट डालने को लेकर बहुत से बुजुर्ग मतदाताओं में काफी उत्साह दिखा  | 

छत्तीसगढ़ में पूरे उत्साह के साथ मतदान केंद्रों में पहुंचे बुजुर्गों ने नई पीढ़ी को मतदान के लिए जागरूक रहने का बड़ा संदेश भी अपनी प्रभावी उपस्थिति के साथ दिया  | मतदान केंद्र में कई बुजुर्ग व्हील चेयर में वोट डालने के लिए आए थे |  इससे पता चलता है कि उनके अंदर एक नागरिक होने का आत्मसम्मान कितना मजबूत है और वे अपने अमूल्य वोट की कितनी अहमियत समझते हैं  |  निर्वाचन आयोग ने राज्य के सभी मतदान केंद्रों में बुजुर्ग मतदाताओं की सुविधा के लिए विशेष व्वस्थाओं के निर्देश दिए हैं |  मतदान केंद्रों में व्हील चेयर के साथ प्राथमिक चिकित्सा व्यवस्था और बुजुर्गों के बैठने के लिए इंतजाम किए गए  |  राजधानी रायपुर के देवेन्द्र नगर स्थित मतदान केंद्र में मतदान के लिए आईं 85 वर्षीय जोतबानी ने बैलेट पेपर से वोट डाला  | 

वोट डालकर मतदान केंद्र से बाहर निकलते हुए उन्होंने बताया कि करीब 16 साल बाद बैलट पेपर से मतदान किया  | इससे  पुराने दिन याद आ गए |  

अपने शहर की सरकार चुनने के लिए छत्तीसगढ़ के 151 नगरीय निकायों में शनिवार को नागरिकों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया  |  सुबह आठ बजे से मतदान शुरू होना था, लेकिन मतदान की उत्सुकता बहुत से वोटरों को समय से पहले ही मतदान केंद्र तक खींच लाई थी  | कतारों में लगकर अपनी पारी का इंतजार करते हुए मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया और शहरी सरकार चुनने में भागिदार बने |  राज्य में शाम पांच बजे तक मतदान  हुआ   ...   10 नगर निगम, 38 नगर पालिका और 103 नगर पंचायतों में जनप्रतिनिधियों के चुनाव के लिए यह मतदान  हुआ  | राज्य के सर्वाधिक नक्सल प्रभावित दक्षिण इलाके में भी निकायों में शांतिपूर्ण मतदान हुआ  और वोटर्स पूरे उत्साह के साथ इसमें शामिल नजर आये  | 24 दिसंबर को मतगणना के बाद 2840 नए पार्षद चुन कर आएंगे  | 

MadhyaBharat 21 December 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 5826
  • Last 7 days : 36624
  • Last 30 days : 155508


All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.