Since: 23-09-2009

  Latest News :
भारत-USA के बीच 3 अरब डॉलर की डिफेंस डील.   CAA विरोध का उपद्रव हिंसा में सात लोगों की मौत.   मोटेरा में दिखी ट्रंप-मोदी की दोस्ती.   वर्चस्व के लिए कांग्रेस के नेता आपस में भिड़े.   बरेली को आखिर मिल गया अपना झुमका.   शाहहिं बाग़ पर सुप्रीम कोर्ट की दो टूक .   जर्जर भवन में गढ़ता कल का भविष्य.   कर्ज में डूब रहा है कमलनाथ का मध्यप्रदेश.   शिक्षकों को अपमानित करने वाला फरमान.   दिग्विजय सिंह:शिवराज सिंह चौहान गर्त में है .   मौसम में 29 फरवरी से होगा बड़ा बदलाव.   जमकर थिरके गुना सांसद केपी यादव.   पखांजूर में धान खरीदी नहीं होने से घुस्साये किसान.   अस्पताल से छह दिन का बच्चा चोरी.   जवानों ने बरामद किया प्रेशर आईईडी बम.   अस्तित्व में आया गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला.   CM भूपेश ने बच्चों से कहा डर छोड़कर साहसी बनें.   अबूझमाड़ पीस हाफ मैराथन का किया गया आयोजन.  
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया जगदलपुर में ध्वजारोहण

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की तीन बड़ी घोषणाएं

गणतंत्र दिवस पर महिला आइपीएस ने किया परेड का नेतृत्व

 

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जगदलपुर में ध्वजारोहण कर गणतंत्र दिवस परेड की सलामी ली  | मुख्यमंत्री ने तीन बड़ी घोषणाएं की

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज गणतंत्र दिवस के अवसर पर मैं नई पीढ़ी को जागरूक और सशक्त बनाने के संबंध में तीन नई घोषणाएं करता हूं |  आगामी शिक्षा सत्र से प्रदेश की प्राथमिक शालाओं में स्थानीय बोली-भाषाओं में पढ़ाया जायेगा  | वहीँ रायपुर में गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजधानी रायपुर के पुलिस मैदान में पहली बार परेड का नेतृत्व महिला आइपीएस अंकिता शर्मा ने किया  

गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में मुख्यमंत्री ने तीन बड़ी घोषणाएं की  | उन्होंने कहा कि आगामी शिक्षा सत्र से प्राथमिक शालाओं में छत्तीसगढ़ी, गोंडी, हल्बी, भतरी, सरगुजिया, कोरवा, पांडो, कुडुख, कमारी में भी होगी पढ़ाई की व्यवस्था जबकि स्कूलों में किया जाएगा संविधान की प्रस्तावना का वाचन  | इसके साथ ही छत्तीसगढ़ की महान विभूतियों की जीवनी पर परिचर्चा जैसे आयोजन स्कूलों में होंगे  | दूसरा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में 5 हजार स्थाई शिक्षक-शिक्षिकाओं की भर्ती करने का ऐलान किया है |  इसमें से 7 हजार से अधिक शिक्षक-शिक्षिकाएं आदिवासी अंचलों की शालाओं को मिलेंगे  | मुख्यमंत्री ने कहा कि नई पीढ़ी को अच्छी शिक्षा से लेकर रोजगार दिलाने तक का काम सामूहिक जिम्मेदारी का है  | अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के प्री-मैट्रिक छात्रावास  | आवासीय विद्यालयों आश्रमों में निवासरत विद्यार्थियों की शिष्यवृत्ति बढ़ाकर 1000 रूपए प्रतिमाह करना |  मैट्रिकोत्तर छात्रावासों के विद्यार्थियों की भोजन सहायता की राशि बढ़ाकर 700 रूपए प्रतिमाह करना | जाति प्रमाण पत्र जारी करने की सरल व्यवस्था  | 17 नये एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय शुरू करना इसके कुछ उदाहरण है | 

बस्तर, सरगुजा और बिलासपुर संभाग में स्थानीय लोगों की भर्ती में तेजी लाने के लिए कनिष्ठ सेवा चयन बोर्ड का गठन  |  जिला संवर्ग में भर्ती की समय-सीमा दो वर्ष बढ़ाना  |  सभी वर्गों के युवाओं को विभिन्न विभागों में हजारों पदों पर भर्ती | कौशल उन्नयन और रोजगारपरक प्रशिक्षण जैसे अनेक उपाय किए जा रहे हैं |  युवाओं के सर्वांगीण विकास के लिए खेल प्राधिकरण का गठन  |  राज्य स्तरीय युवा महोत्सव का आयोजन शुरू किया गया है | हम युवाओं को यह संदेश देने में सफल हुए हैं कि पढ़ाई के अलावा उनके कैरियर निर्माण के अन्य कई रास्ते तलाशे जा रहे हैं | गांव-गांव में युवा-शक्ति को रचनात्मक दिशा देने के लिए ‘राजीव मितान क्लब’ गठित किए जाएंगे |  इन क्लबों को अपनी गतिविधियों के संचालन के लिए प्रतिमाह 10 हजार रूपए दिए जाएंगे  | मुख्यमंत्री बघेल ने जनता के नाम अपने संदेश में कहा कि लोहण्डीगुड़ा ने हमें आदर्श पुनर्वास कानून के पालन की सीख दी तो आदवासियों की जमीन वापसी से छत्तीसगढ़ सरकार को अपार यश मिला  |  मुख्यमंत्री ने सम्बोधन की शुरूआत  छत्तीसगढ़ी में की | मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के ताजा हालात किसी से छिपे नहीं हैं    तमाम प्रतिगामी ताकतों और हरकतों के बीच छत्तीसगढ़ एक बार फिर यह साबित करने में सफल हुआ है |  

 कि हमें जोड़ना आता है, हमें रचना आता है, हमें बनाना आता है | तोड़ने-फोड़ने-बिगाड़ने में प्रदेश की जनता का कभी कोई विश्वास नहीं था  | 

 रचनात्मक सोच और कार्य ही हमारा रास्ता बनाते रहे हैं।

सबसे रोमांचक पल रहा ही रायपुर में गणतंत्र दिवस 26 जनवरी पर राजधानी रायपुर के पुलिस मैदान में पहली बार परेड का नेतृत्व महिला आइपीएस अंकिता शर्मा ने किया |  परेड में महाराष्ट्र के प्लाटून कमांडर भी शामिल रहे  |  26 जनवरी पर परेड के नेतृत्व करने पर अंकिता शर्मा ने काफी गौरव महसूस किया   उनका कहना था कि मैं बहुत खुश हूं कि मुझे यह मौका मिला है और मुझे अच्छा लग रहा है  | अंकिता शर्मा छत्तीसगढ़ की पहली महिला आईपीएस हैं |  इस पर उन्होंने कहा कि इस सर्विस में आना मेरे लिए सपने जैसा था |  जैसे एक व्यक्ति का सपना साकार होता है, वैसे ही मेरा भी हुआ है | 

 

MadhyaBharat 28 January 2020

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 4462
  • Last 7 days : 35666
  • Last 30 days : 147194


All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.