Since: 23-09-2009

  Latest News :
बरेली को आखिर मिल गया अपना झुमका.   शाहहिं बाग़ पर सुप्रीम कोर्ट की दो टूक .   दिल्ली Exit Poll में कांग्रेस के बुरे हाल.   पद्मश्री से सम्मानित गिरिराज किशोर का निधन.   डंडामार पर बोले मोदी- मेरे पास जनता का कवच.   डंडे वाले बयान पर पीएम मोदी का जवाब.   रेलवे फुटओवर ब्रिज का हिस्सा गिरने से 9 लोग घायल.   संदेहास्पद परिस्थितियों में हुई विचारधीन कैदी की मौत.   रेत से भरे दो दर्जन टेक्टर ट्रॉली पकडे गए.   छेड़खानी करना युवक को पड़ा महंगा.   नायब तहसीलदार ने पकड़े अवैध रेत से लदे 4 ट्रैक्टर.   धान खरीदी पर अड़े किसान,बैरंग लौटा प्रशासन.   अस्पताल से छह दिन का बच्चा चोरी.   जवानों ने बरामद किया प्रेशर आईईडी बम.   अस्तित्व में आया गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला.   CM भूपेश ने बच्चों से कहा डर छोड़कर साहसी बनें.   अबूझमाड़ पीस हाफ मैराथन का किया गया आयोजन.   छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा.  
44 घंटे खुले रहेंगे महाकाल मंदिर के पट
 MAHAKAAL

महाशिवरात्रि मानेगी शिवनवरात्रि के रूप में

 

ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में महाशिवरात्रि पर लगातार 44 घंटे मंदिर के पट खुले रहेंगे  |  महापर्व पर राजाधिराज महाकाल आम दिनों की अपेक्षा डेढ़ घंटे पहले जागेंगे  |   20 फरवरी को रात 2.30 बजे मंदिर के पट खुलेंगे  | पश्चात भस्मारती होगी  |  इसके बाद आम दर्शन का सिलसिला शुरू होगा, जो निरंतर 22 फरवरी की रात 11 बजे शयन आरती तक चलेगा  |  बारह ज्योतिर्लिंगों में से एकमात्र दक्षिण मुखी ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में महाशिवरात्रि, शिवनवरात्रि के रूप में मनाई जाती है  |  इस बार भी 13 फरवरी से शिवनवरात्रि की शुरुआत होगी  भूतभावन भगवान् महाकाल के दरबार में शिवनवरात्रि  से प्रतिदिन भगवान का अलग-अलग रूप में आकर्षक श्रृंगार होगा  | उसके बाद  21 फरवरी को महाशिवरात्रि के लिए 20 फरवरी की रात 2.30 बजे मंदिर के पट खुलेंगे तथा भस्मारती होगी |  सुबह 5 बजे से आम दर्शन की शुरुआत होगी |  दोपहर 12 बजे तहसील की ओर से भगवान महाकाल की पूजा अर्चना की जाएगी | शाम 4 बजे होल्कर व सिंधिया स्टेट की ओर से पूजन किया जाएगा |  इसके बाद रात्रि 11 बजे से रात्रि पर्यंत महापूजा होगी   | पूजन उपरांत 22 फरवरी को तड़के 4 बजे भगवान महाकाल का सप्तधान रूप में श्रृंगार कर उनके शीशसवामन फूल व फलों का सेहरा सजाया जाएगा | सुबह 10 बजे तक भक्तों को सेहरे के दर्शन होंगे  | सेहरा उतारने के बाद दोपहर 12 बजे साल में एक बार दोपहर में होने वाली भस्मारती होगी   | रात 11 बजे 44 घंटे बाद मंदिर के पट बंद होंगे | ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में शिवनवरात्रि के दौरान प्रतिदिन सुबह 9.30 से दोपहर एक बजे तक विशेष पूजा अर्चना होगी  |  शाम को दोपहर 3 बजे से संध्या पूजन तथा इसके बाद भगवान का विशेष श्रृंगार होगा |   विशेष अभिषेक-पूजन के समय गर्भगृह में भक्तों का प्रवेश निषेध रहता है  |  

 

MadhyaBharat 6 February 2020

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 7496
  • Last 7 days : 36890
  • Last 30 days : 148842


All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.