Since: 23-09-2009

  Latest News :
मोटेरा में दिखी ट्रंप-मोदी की दोस्ती.   वर्चस्व के लिए कांग्रेस के नेता आपस में भिड़े.   बरेली को आखिर मिल गया अपना झुमका.   शाहहिं बाग़ पर सुप्रीम कोर्ट की दो टूक .   दिल्ली Exit Poll में कांग्रेस के बुरे हाल.   पद्मश्री से सम्मानित गिरिराज किशोर का निधन.   जमकर थिरके गुना सांसद केपी यादव.   बिगड़ा मौसम का मिजाज तेज बारिश के साथ गिरे ओले.   प्रेमी जोड़े को साथ ग्रामीणों ने की बेरहमी पिटाई.   नही रुक रही हर्ष फायरिंग,जान से हो रहा है खिलवाड़.   कमलनाथ के मंत्री सज्जन वर्मा ने बयान किया सच.   लक्ष्मण सिंह ने कहा कंप्यूटर बाबा फर्जी.   अस्पताल से छह दिन का बच्चा चोरी.   जवानों ने बरामद किया प्रेशर आईईडी बम.   अस्तित्व में आया गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला.   CM भूपेश ने बच्चों से कहा डर छोड़कर साहसी बनें.   अबूझमाड़ पीस हाफ मैराथन का किया गया आयोजन.   छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा.  
कुपोषित बच्चों के प्रबंधन पर प्रशिक्षण

कुपोषित बच्चे पोषण पुनर्वास केंद्र में रहेंगे

 

रीवा के जवा में गंभीर कुपोषित बच्चों के समुदाय आधरित प्रबंधन पर विशेष  प्रशिक्षण दिया गया और बताया गया कि अति गंभीर कुपोषित बच्चों को पुनर्वास केंद्र में रखा जाएगा ताकि उनका कुपोषण दूर किया जा सके  | 

महिला बाल विकास विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग के  तत्वाधान में अति गंभीर कुपोषित बच्चों के समुदाय आधारित प्रबंधन पर कार्यकर्ता एवं एएनएम का परियोजना स्तरीय प्रशिक्षण आयोजित किया गया |  परियोजना अधिकारी मालती पाण्डेय ने प्रशिक्षण में बताया कि 20 फरवरी  तक  सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर अति कम वजन बच्चों का चिन्हांकन पर्यवेक्षक के निगरानी में किया  जाएगा  | ऐसी अति कम वजन के बच्चे जो चिकित्सकीय जटिलता वाले एवं भूख परीक्षण में फेल हो गए हो इन बच्चों को पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कराया जाएगा  | शेष अति कम वजन के बच्चों को सी सेम क्लीनिक में उपचार किया जाएगा  | 

स्वास्थ विभाग से डा अग्निवेश मिश्रा ने बताया कि प्रथम दिन एएनएम इन बच्चों को अपनी निगरानी में आवश्यक दवाएं अमाक्सीसिलिन अल्बेंडाजोल, फोलिक एसिड टेबलेट आयरन सिरप एवं मल्टीविटामिन सिरप का निर्धारित डोज देगी |  तत्पश्चात शेष 4 दिनों में बच्चों के  अभिभावक देखभाल करता को बुलाकर आवश्यक साफ-सफाई, स्वास्थ्य, पोषण, एवम परामर्श दिया जाएगा  | आगामी 12 सप्ताह विभिन्न थीमों पर बच्चों के परिवारों को जागरूक किया जाएगा |  12 सप्ताह उपरांत जो बच्चे सामान्य स्वस्थ हो जाएंगे उन्हें सीसैम क्लीनिक से डिस्चार्ज किया जाएगा जो बच्चे रिकवर्ड नहीं हुए अथवा चिकित्सकीय जटिलता या ऐपेटाइट टेस्ट में फेल हुए हैं उन्हें एनआरसी पहुंचाया जाएगा  | 

 

MadhyaBharat 12 February 2020

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 6029
  • Last 7 days : 39091
  • Last 30 days : 155603


All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.