Since: 23-09-2009

Latest News :
दिवाली में सिर्फ दो घंटे फोड़ पाएंगे पटाखे.   दुनिया का सबसे लंबा पुल चीन में .   राफेल डील हमारे लिए बूस्टर डोज : वायुसेना चीफ.   नरेंद्र सिंह तोमर की तबीतय बिगड़ी, एम्स में भर्ती.   राम और रोटी के सहारे कांग्रेस .   डीजल-पेट्रोल के दाम में फिर लगी आग.   कमजोर विधायकों के भाजपा काटेगी टिकट.   डिजियाना की स्‍कार्पियो से 60 लाख रुपए जब्‍त.   पेड़ न्यूज़ के सबसे ज्यादा मामले बालाघाट में .   कुरीतियों को समाप्त करने में योगदान करें महिला स्व-सहायता समूह.   गरीबों के बकाया बिजली बिल के माफ हुए 5200 करोड़ :चौहान.   ग्रामीण महिलाओं से संवाद के प्रयास जरूरी : जनसम्पर्क मंत्री डॉ. मिश्र.   साक्षर इलाकों के नामांकन-पत्र ज्यादा होते हैं खारिज.   गिर सकता है 20 फीसद सराफा कारोबार.   सुकमा मुठभेड़ में तीन नक्सली मरे ,नारायणपुर में तीन का समर्पण .   पखांजूर में शुरू होगा नया कृषि महाविद्यालय.   रमन सरकार नक्सलियों को लेकर उदार हुई .   दिग्विजय सिंह बोले -अजीत जोगी के कारण मप्र में हारे थे.  

झाबुआ News


तेंदूपत्ता संग्राहक

मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने आज झाबुआ जिले के ग्राम सुतरेटी में असंगठित श्रमिक एवं तेंदूपत्ता संग्राहक सम्मेलन में कहा कि प्रदेश में फसल काटने, गिट्टी तोड़ने और हम्माली करने वाले श्रमिकों तथा ढ़ाई एकड़ से कम जमीन वाले किसानों को विभिन्न योजनाओं का भरपूर लाभ दिया जायेगा। राज्य सरकार बिना किसी भेदभाव के सभी जरूरतमंदों और गरीबों को जन-कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित कर रही है। श्री चौहान ने इस मौके पर नर्मदा-झाबुआ सिंचाई परियोजना के लिये 2050.70 करोड़ रूपये स्वीकृत करने की घोषणा की। सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के पात्र हितग्राहियों को हित-लाभ एवं वनाधिकार पट्टों का वितरण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि झाबुआ जिले में असंगठित श्रमिक कल्याण योजना में पंजीकृत 3 लाख 66 हजार गरीबों को जमीन का मालिक बनाया जाएगा। प्रत्येक पट्टे पर प्रधानमंत्री आवास और मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत मकान बनवाकर दिए जायेंगे। वर्ष 2022 तक सभी आदिवासियों को पक्के मकान बनवाकर दिये जायेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गरीबों को मकान के लिए जमीन और बिजली प्राथमिकता के आधार पर दी जाएगी। श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार पंडित दीनदयाल के आदर्शो पर चलकर गरीबों के कल्याण के लिए कार्य कर रही है। प्रदेश में विगत एक अप्रैल से पंजीकृत श्रमिकों को 200 रुपये प्रति माह की दर से घरेलू बिजली दी जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भारत सरकार की आयुष्मान योजना का लाभ मध्यप्रदेश की जनता को भी दिलवाया जाएगा। साथ ही, गरीब बहनों को सम्मानजनक व्यवसाय के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं की विस्तार से जानकारी देते हुए नागरिकों से अपील की कि 7 मई को विशेष ग्राम सभा में अवश्य भाग लें। सभा में असंगठित मजदूरों के पंजीयन की सूची पढ़ी जायेगी। उन्होंने श्रमिकों से आग्रह किया कि अगर सूची में नाम छूट गया हो, तो विशेष ग्राम सभा में ही अपना नाम जुड़वाएँ। सम्मेलन में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने श्रमिकों, तेंदूपत्ता संग्राहकों एवं महुआ फूल बीनने वाले श्रमिकों को चरण पादुका, साड़ी और पानी की बॉटल का वितरण किया। विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को हित-लाभ भी वितरित किये। मुख्यमंत्री ने आदिवासी बोली की नुक्कड़ नाटक पुस्तिका ''पोरियों नी हन्देहो'' का विमोचन किया और नागरिकों को बच्चों को पढ़ाने, जल-संरक्षण, गाँव को सुंदर और स्वच्छ बनाने, घर में शौचालय बनाने, पर्यावरण संरक्षण के लिए पौधे लगाने और वृक्ष बचाने का संकल्प दिलवाया। कार्यक्रम में विधायक श्री कलसिंह भाबर और श्री शांतिलाल बिलवाल तथा राज्य लघु वनोपज संघ के अध्यक्ष श्री महेश कोरी उपस्थित थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 May 2018

पेटलावद बलास्ट मृतकों की संख्या 94 ,घटना की न्यायिक जाँच होगी

मृतकों के परिजन को मिलेंगे 5-5 लाख रुपये झाबुआ के पेटलावद ब्लास्ट में मरने वालों की संख्या 94 पहुँच गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने झाबुआ जिले के पेटलावद पहुँचकर घटना का जायजा लिया। वे शनिवार को यहाँ हुए एक भीषण हादसे के घायल तथा मृतकों के परिजनों से मिले। उन्होंने कहा कि पेटलावद में हुए भीषण हादसे की न्यायिक जाँच करवायी जायेगी। मृतकों के परिजनों को पाँच-पाँच लाख रुपये दिये जायेंगे। प्रत्येक मृतक के परिवार के एक सदस्य को पात्रता अनुसार रोजगार/स्व-रोजगार मुहैया करवाया जायेगा। किसी भी हाल में अपराधी को छोड़ा नहीं जायेगा। अपराधी की सूचना देने वाले को एक लाख रुपये का इनाम दिया जायेगा।मुख्यमंत्री श्री चौहान पेटलावद में मृतकों के परिजन और घायलों से मुलाकात के दौरान बहुत द्रवित दिखे। उन्होंने न केवल सबको ढाँढस बँधाया बल्कि हरसंभव मदद की बात भी कही। अनेक जगह उन्होंने जमीन पर बैठकर लोगों की बात को गंभीरता से सुना।एसडीएम और एसडीओपी हटायामुख्यमंत्री श्री चौहान ने पेटलावद के एस.डी.एम. और एस.डी.ओ.पी. को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिये। उन्होंने पेटलावद थाना के पूरे अमले को भी तत्काल प्रभाव से बदलने के निर्देश दिये।40 परिवारों से मिलकर की संवेदना व्यक्तमुख्यमंत्री ने अपने पेटलावद प्रवास के दौरान 40 परिवारों से मिलकर संवेदना प्रकट की। उन्होंने सभी को ढाँढस बताया और जाँच में कोई कोताही न बरतने की बात की।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोमवार की सुबह पुन: पेटलावद जायेंगे। मुख्यमंत्री सोमवार को मृतकों और घायलों से संबंधित 17 गाँव में जाकर परिजनों से भेंटकर उन्हें दिलासा देंगे।मुख्यमंत्री चौहान सबसे पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पेटलावद पहुँचकर घायलों से मिले। उन्होंने घायलों के स्वास्थ्य की जानकारी ली तथा उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की। उन्होंने चिकित्सकों को निर्देश दिये कि घायलों के मध्यप्रदेश और मध्यप्रदेश के बाहर जहाँ भी जरूरी होगा, उपचार में किसी भी तरह की कोई कसर नहीं छोड़े। घायलों को बेहतर से बेहतर चिकित्सा मुहैया करवायी जाये। उन्होंने घायलों के परिजनों को आश्वस्त किया कि घायलों के उपचार में व्यय होने वाली सम्पूर्ण राशि राज्य शासन वहन करेगा। शासन द्वारा हरसंभव आवश्यक मदद दी जायेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान हादसे में मृत लोगों के परिजन से भी मिले और उन्हें सांत्वना दी। उन्होंने राज्य शासन की ओर से उन्हें सहायता देने की बात कही।मुख्यमंत्री घटना स्थल के आसपास एकत्र स्थानीय नागरिकों से भी मिले। उन्होंने सभी की बात को गंभीरता से सुना तथा नागरिकों द्वारा दिये गये सुझावों पर अमल करने का भरोसा दिलाया। श्री चौहान ने घटना स्थल का मुआयना करने के बाद पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये।मुख्यमंत्री श्री चौहान स्थानीय मुक्तिधाम भी गये जहाँ मृतकों का अंतिम संस्कार किया गया था। वहाँ मुख्यमंत्री ने मृतकों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

Video

Page Views

  • Last day : 960
  • Last 7 days : 4527
  • Last 30 days : 41815
Advertisement
All Rights Reserved ©2018 MadhyaBharat News.