Since: 23-09-2009

Latest News :
दिल्ली में हेलिकॉप्टर से पानी के छिड़काव की तैयारी.   अचार, मुरब्बा बनाने की तकनीक दुनिया को करती है उत्साहितः मोदी.   गुजरात में चुनाव दिसम्बर में होने के संकेत.   मीडिया की गति और नियति.   PM मोदी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की मौजूदगी में रावण दहन .   राज ठाकरे की चुनौती, पहले सुधारो मुुंबई लोकल फिर बुलेट ट्रेन की बात.   कबीर की शिक्षा समाज के लिये संजीवनी : कबीर महोत्सव में राष्ट्रपति श्री कोविंद.   चित्रकूट में एक हजार से अधिक लायसेंसी हथियार जमा.   भावांतर भुगतान योजना में एक लाख 12 हजार से अधिक किसानों द्वारा 32 लाख क्विंटल उपज का विक्रय .   उद्योग संवर्द्धन नीति-2014 में संशोधन की मंजूरी.   मुख्यमंत्री शिवराज के निवास पर दशहरा पूजा.   मानव जीवन के लिए नदी बचाना जरूरी : चौहान.   मूणत CD कांड - फॉरेंसिंक रिपोर्ट आते ही शुरू होगी CBI जांच.   मूणत की CD का सच सीबीआई को सौंपने दिल्ली पहुंची एसआईटी.   पुलिस लाइन रायगढ़ के प्रशासनिक भवन में आग.   बीमार पत्नी से झगड़ा पति, हत्या कर फांसी पर झूला.   बस्तर दशहरा के लिए माई जी को न्यौता.   बस्तर को अलग राज्य बनाने की मांग.  

रायसेन News


 शिवराज ने ग्राम रतनपुर में किया श्रमदान

रायसेन जिले को 19 नवम्बर तक ओडीएफ करने का लक्ष्य  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज रायसेन जिले के ग्राम रतनपुर में 'स्वच्छता ही सेवा'' अभियान के तहत प्रदेश भर में चलाये जा रहे शौचालय के लिए गढ्ढा खोदने के अभियान में शामिल हुए। उन्होंने साँची-रायसेन मार्ग पर ग्राम रतनपुर में ट्विन-पिट खोदने की शुरूआत की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गाँवों को स्वच्छ रखने के लिये 'स्वच्छता ही सेवा'' अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के दौरान पूरे प्रदेश में आज ही दो लाख गड्डे खोदने का लक्ष्य है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि आगामी 19 नवम्बर तक पूरे रायसेन जिले को ओडीएफ घोषित कर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के जन्म-दिवस के अवसर पर स्वच्छता को प्राथमिकता देने वाले कार्य शुरू किये जा रहे हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा शुरू किया गया स्वच्छता अभियान अब सीधे आमजन से जुड़ा अभियान बन गया है। मध्यप्रदेश की जनता भी इस अभियान में बढ़-चढ़कर भाग ले रही है। श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में जिन क्षेत्रों में स्वच्छता अभियान के अपेक्षित परिणाम नहीं मिले हैं, उनमें अभियान के तहत 2 अक्टूबर गाँधी जयंती तक विशेष प्रयास किये जाएंगे।  श्री चौहान ने कहा कि खुले मे शौच जाना बीमारियों को बढ़ावा देना है। जहाँ स्वच्छता है, वहीं स्वस्थ जीवन है। उन्होंने प्रदेश के शौचालयविहीन घरों में रहने वाले परिवारों से शौचालय बनवाने की अपील करते हुए कहा कि प्रदेशवासी खुले में शौच नहीं जाने का संकल्प लें। तभी स्वस्थ्य एवं स्वच्छ भारत का निर्माण होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर स्वच्छता रथ को हरी झण्डी दिखाकर गाँव-गाँव, घर-घर जाने के लिये रवाना किया। जिले के प्रभारी मंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा, साँची जनपद अध्यक्ष श्री एस. मुनियन, नगर पालिका अध्यक्ष श्री जमना सेन, अपर मुख्य सचिव श्री आर.एस. जुलानिया सहित बड़ी संख्या में ग्रामवासी इस अवसर पर उपस्थित थे।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 September 2017

नमामि देवि नर्मदे -सेवा यात्रा

'नमामि देवि नर्मदे -सेवा यात्रा  रायसेन जिले के प्राचीन नर्मदा घाट सिद्ध स्थान पतई पहुँची। यात्रा का जिले में आठवें दिन भी भव्य स्वागत किया गया। नर्मदा मैया के हजारों उपासक दोपहर बाद ही बड़ी संख्या में पतई घाट पहुँचकर नर्मदा स्नान और पूजन का पुण्य प्राप्त कर रहे थे। क्षेत्र के जन-प्रतिनिधियों ने पतई आगमन पर यात्रा की पुष्पहारों से अगवानी की। नर्मदा सेवा यात्रा के आगमन के पहले पतई ग्राम को स्थानीय रहवासी ने साफ और सुंदर बनाने के लिए श्रमदान भी किया। गाँव की गलियों में बालिकाओं ने रंगोली बनाकर नर्मदा यात्रियों के प्रति सम्मान व्यक्त किया। लोक निर्माण मंत्री  रामपाल सिंह ने नर्मदा यात्रा के व्यापक उदृदेश्यों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने आमजन को नर्मदा नदी सहित अन्य नदियों और जल स्त्रोतों को संरक्षण में सहयोग देने के साथ ही सामाजिक कुरीतियों को समाप्त करने का संकल्प दिलवाया। स्थानीय प्रतिभाओं ने प्रभावशाली नृत्य और गीत प्रस्तुत किये। जनपद अध्यक्ष श्री वीरेन्द्र सिंह चौहान ने कहा कि नर्मदा यात्रा और क्षेत्र के विकास में मंत्री श्री रामपाल सिंह के विशेष प्रयास रहे हैं। कलेक्टर श्रीमती भावना वालिम्बे ने बताया कि रायसेन जिले में करीब 2 लाख संकल्प पत्र भरे जायेंगे। जिले की जनता पर्यावरण संरक्षण के लिए तैयार हो चुकी है। बुधवार को दोपहर बाद नर्मदा सेवा यात्रा को रायसेन जिले से जन-प्रतिनिधियों ने विदाई दी । रायसेन जिले के ग्राम टिमरावन में बुधवार की दोपहर नर्मदा सेवा यात्री भण्डारे में शामिल होने के बाद नरसिंहपुर जिले के हीरापुर की ओर रवाना हुई । लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह ने नर्मदा सेवा यात्रा में निरंतर उपस्थित रहकर नर्मदा यात्रियों का उत्साह बढ़ाया है। सीहोर और रायसेन जिले के अनेक नर्मदा घाटों पर श्री रामपाल सिंह ने कार्यक्रमों के सफल संचालन को सुनिश्चित करने के लिए क्षेत्रीय नागरिकों की अधिक-अधिक से भागीदारी के लिए वातावरण तैयार किया। रायसेन जिले के उदयपुरा क्षेत्र से नरसिंहपुर जिले के चावरपाठा विकास खण्ड में नर्मदा सेवा यात्रा के प्रवेश के लिये भी स्थानीय जनता में उत्साह है। मंत्री श्री रामपाल सिंह ने यात्रा में भागीदारी के लिए नागरिकों का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने यह भी विश्वास व्यक्त किया है कि मध्यप्रदेश में जीवनदायिनी नर्मदा मैया के संरक्षण के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान की भावना का सम्मान करते हुए समाज के सभी वर्ग इसी प्रकार सहयोग करते रहेंगे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 April 2017

narmda seva yatra

मुख्यमंत्री चौहान रायसेन के ग्राम बोरास के जन-संवाद में रायसेन जिले में नर्मदा तट पर स्थित बोरास घाट पर 'नमामि देवि नर्मदे''-सेवा यात्रा के जन-संवाद में आनंद मार्ग के संत स्वामी विमलानंद महाराज, सुप्रसिद्ध क्रिकेट कमेंटेटर श्री सुशील दोषी और जाने-माने गजल गायक श्री तलत अजीज ने नर्मदा नदी के संरक्षण के अभियान को अभिनंदनीय और महत्वपूर्ण बताया। अपने-अपने क्षेत्र की इन सुप्रसिद्ध हस्तियों ने नर्मदा संरक्षण अभियान के संचालन के लिये मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान की भूरि-भूरि प्रशंसा की। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह श्री दत्तात्रेय होसबोले ने यात्रा को जनता में आशा और विश्वास का माहौल पैदा करने वाली बताया। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि नर्मदा नदी के तटों पर एक समय ऐसी उपयोगी घास की प्रजातियाँ हुआ करती थीं, जो पशु चारे के लिए उपयोग में लाई जाती थी। यह हमारे प्रदेश की जैव-विविधता का एक विशिष्ट उदाहरण भी था। इस विशिष्टता को पुनः हासिल करने के लिए राज्य सरकार आवश्यक कदम उठाएगी। श्री चौहान ने बताया कि आगे आने वाले समय में क्षिप्रा, ताप्ती और बेतवा के संरक्षण के लिए भी ऐसे अभियान चलाये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने नर्मदा सेवा यात्रा को बहु-उद्देशीय और बहु-उपयोगी बताया। उन्होंने कहा कि सकारात्मक संदेशों के साथ शुरू हुई यह यात्रा पूर्ण होने की अवधि तक अपनी उपयोगिता बड़े वर्ग तक पहुँचायेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आम जनता का आव्हान किया कि आगामी दो जुलाई को अमरकंटक से बड़वानी तक नर्मदा नदी के तट से एक-एक किलोमीटर दूर तक चलने वाले वृक्षारोपण कार्यक्रम में अपनी सहभागिता सुनिश्चत करें। इससे आगे आने वाले वर्षों में भी नर्मदा को वन पोषित जल मिलना सुनिश्चित होगा। श्री चौहान ने कहा कि आज मध्यप्रदेश में नर्मदा नदी से सिंचाई का 30 प्रतिशत काम संभव हुआ है। मध्यप्रदेश गेहूँ उत्पादन में पंजाब और हरियाणा से आगे बढ़ चुका है। श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा ग्लेशियरों से निकल कर नहीं बहती बल्कि इसके किनारे लगे घने वृक्षों द्वारा वर्षा ऋतु में ग्रहण किये गये जल से अविकल बहती है। उन्होंने कहा कि नर्मदा नदी को साफ और सदा नीरा बनाये रखना जरूरी हो गया है। इसी पर प्रदेश के लोगों का जीवन निर्भर है। करीब पचपन नगरों की पेयजल की आपूर्ति करने वाली माँ नर्मदा को बचाये रखने के लिये ठोस और गंभीर प्रयास करना जरूरी है। सरकार यह काम अकेले नहीं कर सकती। समाज के सभी लोगों को आगे बढ़कर साथ देना होगा। उन्होंने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा के बाद सभी के सहयोग से नर्मदा सेवा मिशन चलता रहेगा। इसके लिए नर्मदा तटों के किनारे आबादी वाले क्षेत्रों में नर्मदा सेवा समितियाँ बनायी गयी हैं। इन समितियों में सरकार सहयोगी की भूमिका में होगी। श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में जन सहयोग से नर्मदा संरक्षण अभियान बन गया। नर्मदा सेवा माँ की सेवा समान - श्री होसबोले राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सर कार्यवाह श्री दत्तात्रेय होसबोले ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा ने नदी संरक्षण के लिए जनता में आशा और विश्वास का माहौल पैदा किया है। नर्मदा भौतिक जीवन के लिए आधार और आध्यात्मिक जीवन के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है। नर्मदा की सेवा मॉ की सेवा के समान है। नदी संरक्षण का यह अभियान विश्व के लिये अनुकरणीय-स्वामी विमलानंद आनंद मार्ग के संत स्वामी विमला नंद महाराज ने कहा कि विश्व में भारत ही एक मात्र ऐसा देश है जहाँ नदी को माँ का दर्जा प्राप्त है। उन्होंने कहा कि बच्चों की पाठ्य-पुस्तकों में नर्मदा सेवा यात्रा का उल्लेख होना चाहिए ताकि आगे आने वाली पीढ़ियों को नदी संरक्षण का महत्व समझ में आए। आजाद भारत में पहली बार नदी संरक्षण का प्रयास मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा किया जा रहा है। वह पूरे विश्व के लिए अनुकरणीय है। नर्मदा यात्रा से दाण्डी यात्रा का स्मरण-श्री सुशील दोषी सुप्रसिद्ध क्रिकेट कमेंटेटर श्री सुशील दोषी ने कहा कि नर्मदा यात्रा से उन्हें गांधी जी की दांडी यात्रा का स्मरण हो रहा है जो व्यापक उद्देश्यों को लेकर निकाली गई थी। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नर्मदा मैया के संरक्षण के लिए आम जनता के साथ पशु-पक्षियों के हित में यह महत्वपूर्ण अभियान संचालित किया है। नर्मदा नदी सभी को पानी देने के साथ ही समृद्धि का आशीर्वाद भी देती है। यह सिर्फ एक नदी के संरक्षण का अभियान न होकर संपूर्ण प्रकृति के संरक्षण का अभियान है। नर्मदा सेवा यात्रा में हाथ मिला के चलो-श्री तलत अजीज  जाने-माने ग़जल गायक श्री तलत अज़ीज ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा निकालने के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान विशेष बधाई के पात्र हैं। यह कदम दूरदर्शी होने का प्रमाण है। श्री तलत अजीज ने बताया कि उन्होंने नर्मदा मैया पर एक रचना भी तैयार की है। श्री अजीज ने गज़ल गायन के अंदाज में गीत- “कदम मिलाके चलो, अब कदम मिलाके चलो, नर्मदा सेवा यात्रा में हाथ मिला के चलो, ये देश ऋषियों-संतो का है, ये देश गाती झूमती नदियों का है, कदम मिला के चलो…” सस्वर गाकर भी सुनाया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 April 2017

नर्मदा नदी और पर्यावरण संरक्षण

मुख्यमंत्री  चौहान ने जन-संवाद कार्यक्रम को किया संबोधित  मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि हमारे संतों ने मानव जीवन का लक्ष्य परमात्मा की प्राप्ति और लोक-कल्याण को बताया है। उन्होंने बताया कि ईश्वर को पाने के तीन रास्ते हैं। इसमें एक रास्ता ज्ञान मार्ग का, दूसरा भक्ति का और तीसरा रास्ता कर्म मार्ग का है। मैंने कर्म मार्ग अपनाकर लोक-कल्याण का संकल्प लिया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज नर्मदा सेवा यात्रा में रायसेन जिले के भारकच्छ में जन-संवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को अपना कर्म पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ करना चाहिये। वही उसके सुखद भविष्य और परलोक सुधार का मार्ग सशक्त करेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री होने के नाते मेरा काम केवल प्रदेश का विकास करना ही नहीं है, बल्कि अपनी संस्कृति, परम्परा, धरोहरों और पर्यावरण का संरक्षण करना भी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जब मैं अमरकंटक गया था, तब वहाँ नर्मदा में बूँद-बूँद पानी रिसते देखकर मन में यह विचार आया कि माँ नर्मदा का संरक्षण करना होगा। उन्होंने कहा कि समय रहते हम नहीं जागे तो हमारी नदियाँ और हरियाली नष्ट हो जायेगी। हमें इन्हें भविष्य के लिये बचाना होगा। उन्होंने कहा कि बेतवा और ताप्ती नदियों के पास वनों की अँधाधुँध कटाई के कारण इनमें भी बहने वाला पानी कम हुआ है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा संरक्षण का कार्य जन-भागीदारी से किया जायेगा। जन-सामान्य को जागरूक करने के लिये नर्मदा सेवा यात्रा निकाली जा रही है। उन्होंने कहा कि नर्मदा नदी में पानी के बहाव को बढ़ाने के लिये नदी के दोनों तटों पर बड़ी संख्या में पेड़ लगाने होंगे। उन्होंने कहा कि 11 दिसम्बर से अमरकंटक से प्रारंभ हुई नर्मदा सेवा यात्रा को व्यापक जन-समर्थन मिल रहा है और इस यात्रा ने बड़े आंदोलन का रूप ले लिया है। आज नर्मदा यात्रा की चर्चा न केवल देश में हो रही है, बल्कि दुनिया के अनेक देशों में इसकी चर्चा हो रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि नर्मदा आंदोलन को समाज के प्रत्येक धर्मगुरु का समर्थन मिला है। सभी धर्मगुरु का मत है कि आगे आने वाली पीढ़ी को यदि हमें नदियाँ सुरक्षित देनी है तो हमें इन्हें साफ रखना होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा में किसानों के हितों का भी ख्याल रखा गया है। किसानों को अपनी निजी भूमि पर फलदार पेड़ लगाने के लिये 3 वर्ष तक 20 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर राशि अनुदान के रूप में दी जायेगी। उन्होंने बेटी बचाओ की चर्चा करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने महिलाओं के हितों में प्रभावी निर्णय लिये हैं। महिलाओं को सरकारी नौकरी में 50 प्रतिशत और पुलिस सेवा में 33 प्रतिशत आरक्षण दिया जा रहा है। जन-संवाद कार्यक्रम को साध्वी प्रज्ञा भारती, श्रीलंका बौद्ध सोसायटी के विमल तिस्स, विधायक श्री रामकिशन पटेल ने भी संबोधित किया। जन-संवाद कार्यक्रम में बड़ी संख्या में नागरिक मौजूद थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 March 2017

नमामि देवि नर्मदे-सेवा यात्रा

नमामि देवि नर्मदे - सेवा यात्रा आज सुबह ग्राम जैत से रवाना होकर नजदीक के गाँव नांदनेर पहुँची। यात्रा के 101वें दिन नांदनेर में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान यात्रा में शामिल हुए। नांदनेर में जन-संवाद में श्री चौहान ने कहा कि समाज में महिलाओं एवं बालिकाओं को आगे बढ़ने के लिये हर संभव अवसर उपलब्ध करवाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि महिलाओं को नौकरियों और स्थानीय निर्वाचन में आरक्षण देकर उन्हें आत्म-निर्भर बनाने में मदद की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा का मूल उद्धेश्य जल एवं पर्यावरण संरक्षण के प्रति लोगों में जागरूकता लाना है। साथ ही नशे से होने वाले दुष्प्रभाव और स्वच्छता के प्रति जन-जागरण और बेटियों के सम्मान को बनाये रखने के लिये नर्मदा सेवा यात्रा प्रारंभ की गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा नदी के दोनों तटों पर सघन वृक्षारोपण करवाया जायेगा। दोनों तट से 5-5 किलोमीटर क्षेत्र में शराब की दुकान आगामी 1 अप्रैल से बंद हो जायेगी। नर्मदा तट पर बसे शहरों में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाकर गंदे पानी को नर्मदा में मिलने से रोकने की व्यवस्था की जायेगी। नर्मदा सेवा यात्रा का सीहोर जिले के ग्राम कुसुमखेड़ा एवं बम्हौरी में भी आगमन हुआ। स्थानीय ग्रामीणों ने यात्रा का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। मध्प्रदेश वेयरहाउसिंग कार्पोरेशन के अध्यक्ष श्री राजेन्द्र सिंह राजपूत, वन विकास निगम के अध्यक्ष श्री गुरूप्रसाद शर्मा, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री शिव चौबे, मार्कफेड के अध्यक्ष श्री रमाकांत भार्गव, साध्वी सुश्री प्रज्ञा भारती और विधायक श्री विजयपाल सिंह भी उपस्थित थे। इसके पहले जैत में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने एक बैठक में नर्मदा सेवा यात्रा के ग्राम जैत आगमन के दौरान सफल कार्यक्रम के लिये विभिन्न विभागीय अधिकारी और कर्मचारियों द्वारा की गई व्यवस्थाओं की सराहना की। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी नर्मदा सेवा यात्रा के प्रमुख उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिये सभी अधिकारी-कर्मचारियों को सतत प्रयास करने होंगे। उन्होंने जैत सहित अन्य ग्रामों में नर्मदा सेवा यात्रा की सफलता के लिये जन-प्रतिनिधियों और संतों का आभार प्रकट किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 March 2017

google

रायसेन जिले के गूगलबाड़ा में मुख्यमंत्री श्री चौहान   मॉं नर्मदा मध्यप्रदेश की जीवन दायिनी नदी ही नहीं, बल्कि हम सभी की आस्था का बड़ा केन्द्र भी है। माँ नर्मदा का जल शुद्ध और पवित्र रहे तथा नर्मदा अविरल बहती रहे इसके लिए हमने 'नमामि देवी नर्मदे'-नर्मदा सेवा यात्रा शुरू की है। यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रायसेन के गूगलवाड़ा में कही। श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा शुरू होने से निरन्तर लोगों की भागीदारी बढ़ रही है। यात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल हो रहे हैं। नदी संरक्षण के अभिनव और दुनिया के सबसे बड़े अभियान को मिल रहे व्यापक जन-समर्थन  को देखते हुए निश्चित तौर पर कहा जा सकता है कि यह अभियान जिस उद्देश्य को लेकर शुरू किया गया है उसमें सफलता मिलेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-समुदाय से नर्मदा में गंदगी न डालने और अधिक से अधिक पौघ रोपण पर सहयोग करने की अपील की है। श्री चौहान ने कहा कि यह जन-जन का अभियान है इसमें सभी की भागीदारी होनी चाहिए। कैंसर पीड़ित से मिलकर इलाज की व्यवस्था की मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गूगलवाड़ा में कैंसर पीड़ित 72 वर्षीय अमर जीत सिंह से उनके घर जाकर भेंट की। श्री चौहान ने श्री सिंह का समुचित इलाज करवाने के लिये भोपाल भिजवाने के निर्देश दिये। श्री चौहान ने अपनी बुआजी स्वर्गीय श्रीमती तेजश्री बाई के निवास पर पहुँचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। श्रीमती तेजश्री बाई का 29 दिसम्बर 2016 को निधन हो गया था। इस अवसर पर लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, विधायक श्री रामकिशन पटेल, एमपीएग्रो के अध्यक्ष श्री रामकिशन चौहान और जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री शिवाजी पटेल उपस्थित थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 January 2017

murti

    राज्य शासन के पुरातत्व विभाग की इकाई बी.एस.वाकणकर पुरातत्व शोध संस्थान को रायसेन जिले के ग्राम रिछावर में दसवीं और ग्यारहवीं शताब्दी की प्रतिमाएँ मिली हैं। परमार-कल्चुरी शैली के संयुक्त प्रभावयुक्त दो मंदिर, 30 से अधिक प्राचीन-दुर्लभ प्रतिमा और स्थापत्य खण्ड भी मिले हैं। पुरातत्व आयुक्त अनुपम राजन ने बताया कि रिछावर ग्राम नर्मदा नदी किनारे स्थित होने से ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है। यह क्षेत्र परमार-कल्चुरी राजवंशों का संघर्ष स्थल माना गया है। यहाँ से प्राप्त मंदिर और प्रतिमाओं में परमार एवं कल्चुरी दोनों शैली का प्रभाव देखा गया है। ऐतिहासिक मंदिर मिले शोध कार्य के पहले मंदिर का मूल स्वरूप नए निर्माण के नीचे भू-गर्भ में था। खुदाई करते समय कल्चुरी शैली का 10वीं- 11 वीं शताब्दी की मंदिर संरचना मिली। संरचना की विशेषता यह है कि मंदिर के बाहरी निचले भाग अंलकृत होने के साथ ही तीन दिशा में प्रतिमाएँ स्थापित हैं। इसमें शिव की अनेक प्रतिमा,गणेश,इन्द्राणी, ब्रह्माणी, माहेश्वरी,कार्तिकेय, ब्रह्मा एवं विष्णु भगवान की दुर्लभ प्राचीन प्रतिमा मिली हैं। दूसरा मंदिर 45 फीट लम्बाई एवं 31 फीट चौड़ाई में प्राप्त हुआ। इसमें भी 8 प्रतिमा मिली हैं। दुर्लभ प्रतिमाएँ हिन्दू देवी-देवताओं में दुर्लभ ब्रह्मा की प्रतिमा 61 से.मी. ऊँची और 40 से.मी.चौड़ी है। प्रतिमा 24 भुजा के साथ ही जनेऊ धारण किये हैं, नीचे वाहन हंस भी है। विष्णु भगवान की प्रतिमा 61 से.मी. एवं 40 से.मी. चौड़ाई में है। सिर पर किरीट मुकुट और 8 भुजाएँ हैं। प्रतिमा के नीचे मानवाकार गरुड़ भी है। शिवपुत्र कार्तिकेय की 8 भुजाओं से युक्त प्रतिमा 51 से.मी.ऊँची एवं 37 से.मी. चौड़ाई में निर्मित है। प्रतिमा मोर पर विराजमान है। सिर पर जटा मुकुट है। उमा-महेश्वर की 48 से.मी. ऊँची प्रतिमा अपने वाहन वृषभ और सिंह पर सवार दिखाई देती है। पुरातत्व आयुक्त श्री अनुपम राजन ने दुर्लभ प्रतिमाओं एवं मिले मंदिर के खोज कार्य में शोध संस्थान के शोध अधिकारी डॉ. जिनेन्द्र जैन सहित पुरातत्व संग्रहालय के अमले को इस कामयाबी के लिये बधाई दी है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 December 2016

तामोट और बिलौआ में प्लास्टिक पार्क

प्लास्टिक पार्क में 187 करोड़ के अधोसंरचना कार्य   प्रदेश में भारत सरकार की प्लास्टिक पार्क योजना में उद्योग एवं वाणिज्य विभाग द्वारा रायसेन जिले के तामोट और ग्वालियर जिले के ग्राम बिलौआ में प्लास्टिक पार्क विकसित किये जा रहे हैं। इन प्लास्टिक पार्क के विकास पर 187 करोड़ रुपये के अधोसंरचना कार्य करवाये जा रहे हैं। रायसेन जिले के तामोट में 50 हेक्टेयर भूमि पर प्लास्टिक पार्क विकसित किया जा रहा है। यहाँ बिजली, सड़क, पानी समेत अन्य अधोसंरचना कार्य पर 105 करोड़ रुपये खर्च किये जा रहे हैं। रायसेन जिले का तामोट नेशनल हाइवे-12 ओबेदुल्लागंज से 8 किलोमीटर दूर है। यहाँ 14 किलोमीटर की वॉटर सप्लाई लाइन बिछाई जा रही है। पाइप लाइन के माध्यम से 1.8 एमएलडी पानी की सप्लाई की जा सकेगी। क्षेत्र में 132 के.व्ही. का सब-स्टेशन भी लगाया जा रहा है। स्ट्रीट लाइट व्यवस्था के लिये अंडरग्राउण्ड केबलिंग की जा रही है। प्लास्टिक पार्क में 0.14 एमएलडी क्षमता का 4.7 किलोमीटर का सीवेज सिस्टम तैयार किया जा रहा है। ग्वालियर जिले के बिलौआ में 33 हेक्टेयर भूमि पर 82 करोड़ के अधोसंरचना कार्य करवाये जा रहे हैं। प्लास्टिक पार्क बिलौआ नेशनल हाईवे क्रमांक-75 से 4 किलोमीटर दूर है। पार्क में 13 एकड़ भूमि में पर्यावरण की दृष्टि से पेड़-पौधे लगाये जायेंगे। क्षेत्र में 2.5 एमएलडी क्षमता का वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट भी लगाया जा रहा है। प्लास्टिक पार्क बिलौआ नेशनल केपिटल रीजन की परिधि में आता है। इन दोनो प्लास्टिक पार्क में संचार, बैंकिंग और अग्निशमन सेवा भी विकसित की जा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 November 2016

shivraj singh kanyapujan

मुख्यमंत्री निवास पर हुआ कन्या भोज  मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने अपने निवास पर कन्या भोज का आयोजन किया।  चौहान एवं उनकी धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह चौहान ने परंपरागत रूप से कन्याओं के चरण धोये और आरती उतारी। मंत्रोचारण के साथ उन्होंने कन्याओं को भोजन कराया। श्री चौहान ने कहा कि बेटियाँ आदि शक्ति का स्वरूप और भारत का भविष्य हैं। भोजन के बाद श्री चौहान ने नन्ही भांजियों के साथ आत्मीय क्षण बितायें। उन्होंने कन्याओं का लाड़-दुलार किया। कंकाली मंदिर में दर्शन किये मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह के साथ आज यहाँ माँ कंकाली मंदिर के दर्शन किये। श्री चौहान ने पारम्परिक विधि-विधान से पूजा-अर्चना की। उन्होंने माँ के चरणों में देश-प्रदेश की समृद्धि और प्रदेशवासियों के कल्याण की प्रार्थना की। मुख्यमंत्री ने झांकियों के दर्शन मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह के साथ भोपाल भ्रमण किया। उन्होंने शारदीय नवरात्र के अवसर पर विभिन्न स्थानों पर स्थापित झांकियों के दर्शन किये। माँ दुर्गा का पारंपरिक विधि विधान से पूजन किया।श्री चौहान ने माँ के चरणों में प्रार्थना की है कि सब सुखी हो, सब निरोगी हो, सबका कल्याण हो, सब पर माता की कृपा बरसें। सबके के जीवन में सुख-समृद्धि, रिद्धि-सिद्धि आये। उन्होंने जय माँ पाताल भैरवी कोटरा, कालीबाड़ी बीएचईएल और दुर्गा उत्सव समिति विजय मार्केट, बरखेड़ा में प्रतिष्ठित माँ दुर्गा की झांकियों के दर्शन किये।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 October 2016

मंत्री पुत्र अभिषेक भार्गव को अदालत ने दी जमानत

मध्यप्रदेश के रायसेन जिले की एक अदालत ने निवेशकों के साथ कथित धोखाधडी से जुडे मामले में आज राज्य सरकार के मंत्री गोपाल भार्गव के पुत्र अभिषेक भार्गव को 50 हजार के मुचलके और 20 लाख की एफ डी जमा करने के निर्देश पर जमानत दे दी। अदालत ने कल अभिषेक भार्गव समेत तीन लोगों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। उसी के संबंध में अभिषेक भार्गव आज अदालत में पेश हुए थे। जिले की चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश श्रीमती तृप्ति शर्मा ने जमानत दी। सागर जिले के गढाकोटा निवासी अभिषेक भार्गव श्रद्धा सबूरी कमोडिटीज प्राइवेट लिमिटेड नाम की वित्तीय कंपनी के संचालक मंडल में प्रबंधक की हैसियत से कार्यरत हैं। उनके साथ ही  हरियाणा राज्य के सिरसा निवासी पंकज कुमार और हरियाणा के ही दीपक गावा नाम के व्यक्तियों के खिलाफ वारंट जारी किया गया था। अदालत ने इन तीनों के खिलाफ दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 319 के तहत प्रस्तुत आवेदन पर वारंट जारी किया। प्रकरण के सिलसिले में अधिवक्ता विजय धाकड़ ने बताया कि रायसेन में बसंत उपाध्याय नाम का व्यक्ति श्रद्धा सबूरी कमोडिटीज प्राइवेट लिमिटेड नाम की वित्तीय कंपनी में कर्मचारी की हैसियत से कार्यरत था। वह निवेशकों से धनराशि लेता और उसे काफी अधिक दर के अनुरूप ब्याज समेत वापस करने की बात करता था। इस तरह उसने अनेक निवेशकों से रूपए जमा कर लिए। कुछ समय पहले यह कार्यालय बंद हो गया। इसके बाद मामले की शिकायत पुलिस से की गयी। इस मामले के साक्षी राजेश कुमार और विन्ध्येश्वरी नायक ने अपने कथनों में यह स्पष्ट किया कि मुख्य आरोपी बसंत उपाध्याय के द्वारा कंपनी के नाम से कार्यालय खोलकर इसी कंपनी के कर्मचारी की हैसियत से निवेशकों की राशि कंपनी के नाम पर निवेशित करायी। मुख्य आरोपी बसंत उपाध्याय पहले ही गिरफ्तार हो चुका है। इस मामले की सुनवायी के लिए अगली तिथि आगामी 19 अक्टूबर तय की गयी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 September 2016

aap mp

  आप नेता आलोक अग्रवाल का आरोप        आज आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य व प्रदेश संयोजक  अलोक अग्रवाल ने रायसेन में भाजपा विधायक रामकिशन पटेल के चचेरे भाई कुबेर सिंह की अस्पताल में उपचार न मिल पाने से हुई मृत्यु पर दुख व्यक्त करते हुए कहा है कि पूरे प्रदेश को ही तबाह करके रख दिया है शिवराज सरकार ने। पूरे प्रदेश की व्यवस्था चरमरा चुकी है।  स्वस्थ्य, शिक्षा जैसी बुनियादी जरूरतों को तिलांजलि दे कर पता नहीं कौन सा विकास कर रही है ये शिवराज सरकार ?    आम आदमी की जरूरतो को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है। पूरे प्रदेश में अस्पताल की अव्यवस्थाओ का आलम ये है कि सतना में एक नवजात शिशु के शव  को अस्पताल के अंदर से कुत्ता उठा कर ले गया, कुछ दिन पूर्व कटनी अस्पताल में डॉक्टर्स की मीटिंग चलती रही थी और बाहर सड़क पर खुले में एक प्रसूता ने नवजात को जन्म दिया। अभी कुछ दिन पूर्व दमोह में कलेक्टर की माँ ऐसी ही अव्यवस्था का शिकार बनी। आज भोपाल में अस्पताल से लाश ही चोरी हो गई, कुछ दिन पूर्व शिवराज की खुद की विधान सभा बुधनी में उपचार न मिलने से तंग होकर माँ ने बच्चे के साथ आत्म हत्या कर ली थी।   श्री अग्रवाल ने शिवराज सरकार की कार्यशैली पर ही बड़ा सवाल खड़ा करते हुए कहा कि जब शहरी इलाकों में, खुद उनके विधानसभा क्षेत्र में और ऊँचे ओहदे के लोगों के साथ ऐसी दुर्घटनाएं हो रही हैं तो सोचने वाली बात है कि सुदूर ग्रामीण इलाको तक फैले इस मध्यप्रदेश में और कितनी भयावह स्थिति होगी। ये सरकार इतना कुछ हो जाने के बाद भी सो रही है, कुछ विशेष कदम उठाने के बजाय अनावश्यक कार्यों में उलझी हुई है। प्रदेश की आम जनता स्वास्थ्य, शिक्षा जैसी उनकी बुनियादी जरूरतों पर शिवराज सरकार की उदासीनता को देख रही है इसका जवाब 2018 में जरूर देगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 August 2016

प्रदेश की 234 तहसील में  मॉडर्न रिकार्ड-रूम

वर्तमान में मध्यप्रदेश के 36 जिले के 234 तहसील के रिकार्ड-रूम का आधुनिकीकरण हो गया है। शेष जिलों में भी यह कार्य शीघ्र पूरा हो जायेगा। यह जानकारी आज नेशनल लेंड रिकार्ड माडर्नाइजेशन प्रोग्राम की मध्य एवं पूर्वी क्षेत्र की समीक्षा बैठक में दी गई।बैठक में भारत सरकार की सचिव वंदना कुमारी जैना ने मध्यप्रदेश में भू-अभिलेख के क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि रिकार्ड दुरुस्त होगा तो किसानों को भटकना नहीं पड़ेगा, कार्य शीघ्रता से निपटेंगे और आपसी विवाद नहीं होंगे। उन्होंने समस्त जानकारी वेबसाइट में डालने के निर्देश दिये। यह वेबसाइट http://www.landrecords.mp.gov.in/ है। कम्प्यूटराइज कॉपी आवेदक द्वारा माँगे जाने पर दी जायेगी।श्रीमती जैना ने कहा कि प्रदेश के सभी जिला और तहसील के भू-अभिलेखों को दुरुस्त रखें। इससे किसानों को खसरा, खतौनी, भू-अधिकार, ऋण-पुस्तिका, किश्तबंदी आदि की नकल आसानी से प्राप्त हो सकेगी। साथ ही रिकार्ड में पारदर्शिता आयेगी। मध्यप्रदेश के आयुक्त भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त श्री राजीव रंजन ने वर्ष 2014-15 की वार्षिक कार्य-योजना और उपलब्धि संबंधी प्रेजेन्टेशन दिया।श्रीमती जैना ने देश के मध्य एवं पूर्वी क्षेत्र पश्चिमी बंगाल, छत्तीसगढ़, बिहार, उड़ीसा, नागालेंड एवं सिक्किम के अधिकारियों से भू-अभिलेख के क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों की जानकारी प्राप्त की। बैठक में आर्थिक सलाहकार श्री सुरेन्द्र सिंह और प्रदेश के प्रमुख सचिव राजस्व श्री अरुण तिवारी मौजूद थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

साँची बौद्ध विश्वविद्यालय में होगी पाँच फेकल्टी

लगभग 100 एकड़ में बनेगा विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश के रायसेन जिले के साँची में राज्य शासन द्वारा स्थापित किये जा रहे साँची बौद्ध एवं भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय में मुख्य रूप से पाँच फेकल्टी होंगी। विश्वविद्यालय में बौद्ध-दर्शन, सनातन-धर्म और भारतीय ज्ञान-अध्ययन, अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध-अध्ययन, तुलनात्मक धर्मों और भाषा, साहित्य एवं कला फेकल्टी होंगी। विश्वविद्यालय भवन एवं परिसर के लिये साँची में लगभग 100 एकड़ भूमि आरक्षित की गई है। भवन के निर्माण पर 200 करोड़ रुपये व्यय किये जायेंगे।संस्कृति मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने बताया है कि अपने तरह के पहले एवं अनूठे साँची बौद्ध एवं भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय का भूमि-पूजन साँची में 21 सितम्बर को प्रातः 11.30 बजे होगा। भूमि-पूजन समारोह श्रीलंका के राष्ट्रपति श्री म्हिन्दा राजपक्षे, भूटान के प्रधानमंत्री श्री जिग्मे वाय. थिनले, राज्यपाल श्री रामनरेश यादव, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, सांसद एवं नेता प्रतिपक्ष लोकसभा श्रीमती सुषमा स्वराज, श्री प्रकाश अम्बेडकर, स्वामी दयानंद सरस्वती और श्री वेन. बानगल उपतिस्स नायक थेरो की गरिमामय उपस्थिति में सम्पन्न होगा।विश्वविद्यालय में भारत तथा विदेशों में अन्य भारतीय पद्धतियों के साथ-साथ बौद्ध धर्म के समस्त पहलुओं का अध्यापन एवं शोध किया जाएगा। यहाँ पर बुद्धिज्म शिक्षा, सम-सामयिक दर्शन एवं परम्पराओं में शिक्षा दी जाएगी। विश्वविद्यालय धर्म, दर्शन तथा संस्कृति जैसे क्षेत्रों में ज्ञान के सशक्त ऐतिहासिक समानताओं से जुड़े एशिया के देशों के बीच पारस्परिक संव्यवहार बढ़ायेगा। एशिया की संस्कृति और सभ्यता को साथ लाकर विश्व-शांति और सौहार्द बढ़ाने, शिक्षा की वैकल्पिक पद्धतियों का उपयोग कर शिक्षा प्रणाली में सुधार लाने में योगदान देने के साथ ही विश्वविद्यालय में एशिया को सुसंगत कला, शिल्प और कौशल में शिक्षण और प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा। विश्वविद्यालय के उद्देश्यों को पूर्ण करने के लिए एशिया तथा विश्व के विद्वानों और अन्य इच्छुक व्यक्तियों के बीच भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी।शिलान्यास समारोह के अगले दिन 22 सितम्बर को विधानसभा भवन, भोपाल में दो दिवसीय धर्म-धम्म सम्मेलन का शुभारंभ होगा। सम्मेलन के प्रथम दिन के मुख्य वक्ता प्रो. आनंद गुरुगे हैं। श्री गुरुगे यू.एस.ए. में प्रोफेसर हैं। दूसरे दिन यू.एस.ए., न्यू मेक्सिको, सान्ता फे के वेदाचार्य डॉ. डेविड फ्रॉले (वामदेव शास्त्री) मुख्य वक्ता होंगे। इनके अतिरिक्त लोक सभा सांसद एवं विचारक डॉ. मुरली मनोहर जोशी, श्री अरुण शौरी, श्री लोकेश चन्द्रा, श्री प्रकाश अम्बेडकर, श्री रामा जोईस, श्री एस.एल. भ्यरप्पा, श्री मकरंद परांजपे, श्री एम.बी. अथ्रेय, श्री जेशे सैमटेन, श्री तुल्कू तसोरी रिनपोचे, लाला लोबजैंग, श्री जेशे लखदोर, स्वामी परमात्मानंद, यू.के. से श्री जी.एम. बैमफोर्ड, थाईलैण्ड से भिवकुनी धम्मानंद, श्रीलंका से श्री बानगला थेरो, श्री असंगा तिलकरत्ने, कम्बोडिया से श्री सन सौबर्ट, फ्रांस से श्री कमलेश्वर भट्टाचार्या, जापान से श्री यासूओ कमाटा, भूटान से श्री हरका बी. गुरुंग, नेपाल से श्री त्रि रत्ना मनान्धर, नार्वे से श्री इगिल लोथे, कोरिया से श्री जियो ल्योग ली, वियतनाम से श्री थिच टैम ड्यूक, नीदरलैण्ड से सुश्री एलिजाबेथ डेन बोएर, ताइवान से श्री शिह लिएन हई और चीन से श्री जियानसीन ली की भी भागीदारी रहेगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

शिवराज बोले आम आदमी हूँ आमजन के बीच रहूँगा

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं आम आदमी हूँ और आम जनता के बीच ही रहूँगा।आम आदमी से बड़े राजनेता बने मुख्यमंत्री चौहान ने अपनी धर्मपत्नी साधना सिंह सहित परिजन के साथ गृह ग्राम जैत के तीन दिवसीय प्रवास के अंतिम दिन आज जन समस्या निवारण शिविर में सीहोर, रायसेन और होशंगाबाद जिले के लोगों से भेंट कर उनकी समस्याओं को सुना। शिविर में लोगों से कहा कि मैं आप लोगों से मिलने यहाँ आया हूँ।धन्यवाद देने भी आएशिविर में ऐसे लोग भी मुख्यमंत्री से मिलने पहुँचे जिनके काम मुख्यमंत्री के निर्देश पर हो चुके थे। उन्होंने मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। ग्राम डोबी की बालिका आरती के परिजन ने आरती की किडनी के आपरेशन में मदद के लिये मुख्यमंत्री का आभार माना।मेरे रहते कोई अनाथ नहींग्राम मछवाई के अनाथ बच्चे दीपेश और सोनू जब मुख्यमंत्री चौहान से मिले तो उन्होंने कहा कि मेरे रहते कोई अनाथ नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि बच्चों के पालन-पोषण की जिम्मेदारी सरकार वहन करेगी।शिविर के दौरान निःशक्तजन के इलाज और निःशक्तता प्रमाण-पत्र बनाने की व्यवस्था की गई थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि शीघ्र ही बुधनी में एक रोजगार मेले का आयोजन किया जायेगा। मेले में ज्यादा से ज्यादा बेरोजगारों को रोजगार के अवसर मुहैया करवाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि स्वयं का रोजगार करने वालों को पूरी मदद दी जायेगी।अधिकारियों की बैठकमुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि बरखेड़ा-शाहगंज मार्ग तत्काल दुरूस्त करने की ताकीद की। इसी तरह शाहगंज-बकतरा क्षेत्र में आने वाले कुसुमखेड़ा-नोंनभेंट मार्ग को शीघ्रता से पूरा करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि टेंल एण्ड तक के किसानों को पानी मुहैया होना चाहिए।इस मौके पर सीहोर जिला प्रभारी मंत्री श्री विजय शाह, अध्यक्ष राज्य भंडार गृह निगम श्री राजेन्द्र सिंह राजपूत, अध्यक्ष हाउसिंग बोर्ड श्री रामपाल सिंह, अध्यक्ष मार्क फेड श्री रमाकान्त भार्गव, अध्यक्ष एम.पी.एग्रो रामकिशन चौहान, अध्यक्ष गौ-संवर्धन बोर्ड शिव चौबे, भाजपा जिला अध्यक्ष रद्युनाथसिंह भाटी, विधायक विजय पाल सिंह तथा वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

Video

Page Views

  • Last day : 2842
  • Last 7 days : 18353
  • Last 30 days : 71082
Advertisement
Advertisement
Advertisement
All Rights Reserved ©2017 MadhyaBharat News.