Since: 23-09-2009

Latest News :
दिल्ली में हेलिकॉप्टर से पानी के छिड़काव की तैयारी.   अचार, मुरब्बा बनाने की तकनीक दुनिया को करती है उत्साहितः मोदी.   गुजरात में चुनाव दिसम्बर में होने के संकेत.   मीडिया की गति और नियति.   PM मोदी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की मौजूदगी में रावण दहन .   राज ठाकरे की चुनौती, पहले सुधारो मुुंबई लोकल फिर बुलेट ट्रेन की बात.   कबीर की शिक्षा समाज के लिये संजीवनी : कबीर महोत्सव में राष्ट्रपति श्री कोविंद.   चित्रकूट में एक हजार से अधिक लायसेंसी हथियार जमा.   भावांतर भुगतान योजना में एक लाख 12 हजार से अधिक किसानों द्वारा 32 लाख क्विंटल उपज का विक्रय .   उद्योग संवर्द्धन नीति-2014 में संशोधन की मंजूरी.   मुख्यमंत्री शिवराज के निवास पर दशहरा पूजा.   मानव जीवन के लिए नदी बचाना जरूरी : चौहान.   मूणत CD कांड - फॉरेंसिंक रिपोर्ट आते ही शुरू होगी CBI जांच.   मूणत की CD का सच सीबीआई को सौंपने दिल्ली पहुंची एसआईटी.   पुलिस लाइन रायगढ़ के प्रशासनिक भवन में आग.   बीमार पत्नी से झगड़ा पति, हत्या कर फांसी पर झूला.   बस्तर दशहरा के लिए माई जी को न्यौता.   बस्तर को अलग राज्य बनाने की मांग.  

जबलपुर News


एडीजे श्रीवास निलंबित

    मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के पूर्व विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी, अतिरिक्त जिला सत्र न्यायाधीश आरके श्रीवास को अनुशासनहीनता के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। मंगलवार 8 अगस्त को प्रिंसिपल रजिस्ट्रार (विजिलेंस) सत्येन्द्र कुमार सिंह के हस्ताक्षर से इस आशय का आदेश जारी हुआ। उक्त आदेश में कहा गया है कि सीरियस मिस कंडक्ट को लेकर एडीजे श्रीवास के खिलाफ विभागीय जांच संस्थित कर दी गई है। निलंबन अवधि में एडीजे श्रीवास का मुख्यालय नीमच रहेगा। उल्लेखनीय है कि 15 महीने में चार तबादलों के विरोध में एडीजे श्रीवास ने हाईकोर्ट के बाहन तीन दिनों तक सत्याग्रह किया था। हालांकि, शनिवार को उन्होंने बच्चों की पढ़ाई का नुकसान न हो, इसलिए ट्रांसफर आदेश मानते हुए गृहस्थी का सामान नीमच शिफ्ट कर लिया। उन्होंने मंगलवार को नीमच कोर्ट में ज्वाइन ही किया और प्रिंसिपल रजिस्ट्रार ने उनका निलंबन आदेश जारी कर दिया। निलंबन आदेश काला धब्बा, दिल्ली तक उठाऊंगा आवाज : एडीजे श्रीवास  एडीजे श्रीवास ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अपने निलंबन आदेश को न्यायपालिका के इतिहास में काला धब्बा निरूपित किया। साथ ही हाईकोर्ट के कठोर रवैये की तुलना अंग्रेजों के जमाने में न अपनी दलील और न वकील वाले रोलेट एक्ट से करते हुए अपनी आवाज दिल्ली तक उठाने की चेतावनी दी है। इससे पूर्व जबलपुर आकर हाईकोर्ट स्तर पर विरोध दर्ज कराया जाएगा। यदि आवश्यक पड़ी तो साइकल रैली भी निकालने की बात कही गई है। एडीजे का कहना है कि मैं अपने साथ हुए अन्याय का प्रतिकार जैसे भी बनेगा करूंगा। मैं अपनी ओर से उठाई गई फोर्थ क्लास भर्ती घोटाले सहित 9 बिन्दुओं पर जांच की मांग पर भी पूर्ववत कायम रहूंगा। जबलपुर से हाल ही में नीमच ट्रांसफर किए गए एडीजे श्रीवास ने महज 15 माह में चार तबादला आदेशों को लेकर आक्रोश प्रदर्शित करते हुए हाईकोर्ट के गेट नंबर-3 के सामने सड़क किनारे दरी बिछाकर तीन दिनी सत्याग्रह किया था। इससे पूर्व अपनी पीड़ा सोशल मीडिया के जरिए सार्वजनिक की गई, जिसे मीडिया में स्थान मिला। एडीजे श्रीवास ने बताया कि उन्होंने मंगलवार 8 अगस्त को दोपहर 1 बजे नीमच कोर्ट पहुंचकर विधिवत ज्वाइनिंग दे दी। शाम तक बाकायदे न्यायिक कार्य किया। लेकिन शाम 6 बजे निलंबन आदेश थमा दिया गया। लिहाजा, बुधवार से वे कोर्ट में सुनवाई का न्यायिक कार्य नहीं कर सकेंगे। चूंकि उन्हें फ्री कर दिया गया है, अत: वे एक-दो दिन में अपनी रणनीति बनाकर जबलपुर आएंगे और यहीं से आंदोलन को नए सिरे से गति देंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 August 2017

धरने पर जज आरके श्रीवास

    जबलपुर हाईकोर्ट के विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी और अतिरिक्त जिला सत्र न्यायाधीश आरके श्रीवास मंगलवार सुबह मप्र हाईकोर्ट की इमारत के गेट नंबर तीन के सामने धरने पर बैठ गए। पहले वे परिसर के अंदर सत्याग्रह पर बैठना चाहते थे, लेकिन उन्हें अंदर नहीं जाने दिया गया। मप्र हाईकोर्ट के 61 साल के इतिहास में यह पहला मामला जब किसी एडीजे ने सत्याग्रह किया है। जज श्रीवास ने 15 महीने में 4 बार तबादल किए जाने के विरोध में सत्याग्रह कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्य न्यायाधीश और रजिस्ट्रार जनरल को अपने साथ हुए अन्याय से अवगत कराने के बावजूद हाईकोर्ट प्रशासन की ओर से अब तक कोई भी सकारात्मक रिस्पांस सामने नहीं आया। उनका कहना है कि हर 3 महीने में ट्रांसफर से परिवार परेशान हो गया है। इस बार जैसे-तैसे जबलपुर के क्राइस्ट चर्च स्कूल में बच्चे का एडमिशन करवाया था। एक को पढ़ाई के लिए नीमच में छोड़ना पड़ा, क्योंकि वहां से भी तबादला कर दिया गया था। एडीजे के पक्ष में बार के वकील भी साथ आने लगे हैं। कड़ी धूप में बैठकर धरना दे रहे जज के लिए वकीलों ने छाते मंगवाए। जज का कहना है कि न्याय नहीं मिला तो वे धरने के बाद अनशन करेंगे। महज 15 माह में चौथा तबादला हाईकोर्ट की ट्रांसफर पॉलिसी के सर्वथा विपरीत है। इससे यह साफ होता है कि एकरूपता को पूरी तरह दरकिनार करके मनमाने तरीके से भाई-भतीजावाद के आधार पर तबादले किए जा रहे हैं। इसलिए बजाए झुकने के संघर्ष का रास्ता चुना गया। मुझे अब तक नीमच में ज्वाइन कर लेना था, लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया। इसके स्थान पर नौकरी को दांव पर लगाकर सत्याग्रह की राह पकड़ ली है। यदि मुझे गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गए तो जेल जाने तक तैयार हूं। लेकिन अन्याय किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करूंगा।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 August 2017

 पेड न्यूज  नरोत्तम

जबलपुर में मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय ने प्रदेश के जनसंपर्क और संसदीय कार्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा की निर्वाचन आयोग के फैसले के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई दो सप्ताह आगे बढ़ा दी है। इसके चलते मिश्रा अब राष्ट्रपति चुनाव में हिस्सा नहीं ले सकेंगे।  मिश्रा के खिलाफ आयोग में शिकायत करने वाले राजेंद्र भारती की ओर से मंगलवार की सुनवाई के दौरान उनके अधिवक्ता विवेक कृष्ण तन्खा ने मुख्य न्यायाधीश हेमंत गुप्ता की अध्यक्षता वाली युगलपीठ को बताया कि याचिका को ग्वालियर खंडपीठ से जबलपुर स्थानांतरित करने के संबंध में उच्चतम न्यायालय की शरण ली गई है। उन्होंने युगलपीठ को बताया कि उच्चतम न्यायालय में दायर उनकी विशेष अनुमति याचिका (एसएलपी) पर सुनवाई अभी लंबित है, जिसके बाद युगलपीठ ने मिश्रा की याचिका पर सुनवाई दो सप्ताह बाद निर्धारित कर दी। यह मामला चुनाव आयोग द्वारा 23 जून को दिए उस आदेश से संबंधित है, जिसमें मंत्री नरोत्तम मिश्रा को पेड न्यूज से संबंधित मामले में दोषी पाते हुए 3 साल के लिए अयोग्य ठहराया गया था। भारत निर्वाचन आयोग ने मिश्रा का विधानसभा निर्वाचन तीन वर्षों के लिए अयोग्य ठहरा दिया था। इसके खिलाफ मिश्रा ने ग्वालियर खंडपीठ में याचिका दायर की थी। मिश्रा ने इसे मुख्यपीठ में स्थानांतरित करने का आग्रह किया था। प्रिंसिपल रजिस्ट्रार के निर्देश पर 7 जुलाई को ग्वालियर पीठ के न्यायाधीश विवेक अग्रवाल ने मंत्री मिश्रा की याचिका को सुनवाई के लिए मुख्यपीठ में स्थानांतरित कर दिया था। इसके खिलाफ शिकायतकर्ता राजेन्द्र भारती ने हाईकोर्ट की मुख्यपीठ को एक पत्र लिखते हुए इस पर आपत्ति जताई थी। उन्होंने कहा था कि मुख्यपीठ में दायर याचिका प्रायोजित है। दूसरी ओर उच्च न्यायालय की मुख्य पीठ में एक जनहित याचिका दायर कर एक पत्रकार ने मिश्रा की विधानसभा सीट रिक्त घोषित किए जाने की मांग की थी। मंगलवार को इन दोनों याचिकाओं की सुनवाई मुख्य न्यायाधीश हेमंत गुप्ता की अध्यक्षता वाली युगलपीठ द्वारा की गई। मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है था - जिस अखबार की खबर को आधार बनाकर शिकायत की गई है उसने न्यूज पेड होने से इनकार किया है। एक भी ओरिजनल डॉक्यूमेंट पेश नहीं किया गया। ऐसे तो कोई भी किसी के खिलाफ झूठी फोटोकॉपी पेश कर केस कर देगा। 17 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव की वोटिंग होनी है। मैं वोटर हूं। चुनाव आयोग के इस फैसले से वोट नहीं दे पाऊंगा। इसलिए राहत (स्टे) दें। राजेंद्र भारती का कहना था -चुनाव आयोग ने इन्हें (नरोत्तम की तरफ इशारा करते हुए) अयोग्य घोषित किया है। नरोत्तम ने स्टे मांगा है और हमने भी केविएट दायर की है। दिल्ली से मेरे वकील नहीं आ सके हैं। बहस पूरी हुए बगैर स्टे नहीं दें। लॉ डिपार्टमेंट के डायरेक्टर विजय पांडे (चुनाव आयोग):आयोग ने नरोत्तम मिश्रा और राजेंद्र भारती को सुनवाई का पूरा मौका दिया था। दोनों पक्षों की बात सुनने और तथ्यों के आधार पर ही मिश्रा को अयोग्य घोषित किया गया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 July 2017

11 ki maut

जबलपुर शहर के करीब जामुनिया में मजदूरों से भरा वन विभाग का पिकअप वाहन पलटने से 11 लोगों की मौत हो गई और 15 घायल हो गए। सभी घायलों को जबलपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती करवाया गया। यहां इलाज के बाद 11 घायलों को डिस्चार्ज कर दिया गया और 4 गंभीर घायलों का इलाज जारी है। जानकारी के मुताबिक वन विभाग ने अपनी सरकारी गाड़ी को एक तेंदूपत्ता ठेकेदार को मजदूरों को लाने के लिए दी थी। ठेकेदार का ड्राइवर नशे की हालत में गाड़ी चला रहा था। इस दौरान नरसिंहपुर-गोटेगांव रोड पर जामुनिया के पास एक मोड पर ड्राइवर गाड़ी से अपना नियंत्रण खो बैठा और वह पुलिया की रेलिंग तोड़ते हुए सीधे नीचे जा गिरी। घटनास्थल पर ही 10 मजदूरों की मौत हो गई और एक घायल ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। ये सभी मजदूर गोंदिया से देर रात ट्रेन से जबलपुर आए थे। वन विभाग के वाहन में बैठकर तेंदूपत्ता तोड़ने के लिए चरगंवा जा रहे थे। इसी दौरान रात करीब 2 बजे जामुनिया के पास यह हादसा हो गया। सूचना मिलने के बाद पुलिस और एंबुलेंस मौके पर पहुंची और घायलों को तुरंत मेडिकल अस्पताल ले जाया गया। प्रशासन द्वारा सभी को आर्थिक सहायता देने की बात कही गई है। सभी मजदूर महाराष्ट्र के गोंदिया जिले के डुग्गीपार इलाके के अलग-अलग गांवों के रहने वाले हैं। मृतकों के नाम हैं  बुधराम पिता लक्खू (40), चुन्नी लाल पिता दायाराम चौधरी (35), लच्छू पिता कुंवरलाल चौधरी (30), रामनाथ पिता गनपत सरोते (40),  तुलाराम पिता हरिशचंद्र मोयरे (35), प्रदीप पिता माऊराव हल्वी (19),छगन पिता नीलकंठ कामड़े (30),शंकर पिता रामकृष्‍ण मसकोडे़ (35),गनेंद्र पिता तेजराम (35) ,टुमेश्वर पिता दयाराम मोयर (32) ,संतू पिता दामा शिंदे (53) |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 May 2017

jabalpur

जबलपुर शहर के वरिष्ठ कांग्रेस नेता सईद मालगुजार ने बुधवार अलसुबह अपनी पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद उन्होंने खुद को भी गोली मार ली। घटना में दोनों की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक गोलहपुर के नलियाबंद मोहल्ले में रहने वाले सईद ने पहले बंदूक से पत्नी होसलाबानो के सिर में गोली मारी, जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई। गोली की आवाज सुनते ही उनका बेटा वहां पहुंचा और बंदूक छीन ली, इसके बाद वे दूसरे कमरे में गए और वहां रखी रिवाल्वर से खुद के सिर में गोली मार ली। घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की। सईद मालगुजार नगर कांग्रेस में उपाध्यक्ष और नगर निगम में एल्डरमैन रह चुके हैं। पूर्व महापौर विश्वनाथ दुबे के कार्यकाल में सईद को एल्डरमैन बनाया गया था। फिलहाल वे प्रापर्टी खरीदने और बेचने का करते थे। अभी साफ नहीं हो पाया है कि कांग्रेस नेता ने यह कदम क्यों उठाया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 April 2017

अमित शाह

नर्मदा सेवा यात्रा के 120वें दिन जबलपुर के ग्वारीघाट में जन-संवाद कार्यक्रम का भव्य आयोजन हुआ। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि माँ नर्मदा के संरक्षण के लिए राज्य सरकार हरसंभव प्रयास करेगी। दो जुलाई को लाखों लोग करोड़ों वृक्षों का रोपण नर्मदा के किनारे करेंगे। उन्होंने कहा कि हमने बेतवा, क्षिप्रा और ताप्ती नदी को धार तोड़ते देखा है। यदि आप चाहते हैं कि नर्मदा की धार न टूटे तो किसी पर भरोसा मत करें आगे बढ़ें और इस यात्रा को जन आंदोलन बनाते हुए सम्पूर्ण विश्व में जनभागीदारी से किसी नदी के संरक्षण के लिए चलाया जाने वाला सबसे बड़ा अभियान बनाएं। साथ ही नर्मदा को अविरल बनाने के लिए 2 जुलाई को पौधों का रोपण अनिवार्यत: करें। जनसंवाद में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को आधुनिक भागीरथ की संज्ञा दी। उन्होंने कहा कि माँ नर्मदा जीवनदायिनी तो है ही लेकिन इसके साथ ही मोक्षदायिनी भी है। नमामि देवि नर्मदे – नर्मदा सेवा यात्रा में राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री शाह ने उपस्थित जन-मानस से नर्मदा के संरक्षण में सक्रिय सहभागिता निभाने का आव्हान किया। पद्म पुराण, मत्स्य पुराण में माँ नर्मदा के गौरव का बखान भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बताया कि पदम पुराण, मत्स्य पुराण में माँ नर्मदा की गौरवगाथा का बखान है। जहां अन्य नदियों में स्नान करने से पुण्य की प्राप्ति होती है वहीं माँ नर्मदा के तो दर्शन मात्र से पाप का नाश हो जाता है। माँ नर्मदा का महत्व बताते हुए श्री शाह ने कहा कि सनातन धर्म के इतिहास में भी इसका गौरवशाली उल्लेख है, क्योंकि कुछ कारण तो रहा होगा सनातन धर्म पर संकट आने पर आदिगुरू शंकराचार्य ने भी नर्मदा के किनारे ही धर्मावलम्बियों को एकत्रित कर आगे ले जाने का प्रयास किया। माँ नर्मदा के संरक्षण के लिए प्रारंभ की गई नर्मदा सेवा यात्रा की मुक्त कण्ठ से सराहना करते हुए श्री अमित शाह ने इसके सफल होने की कामना की। उन्होंने कहा कि इसके सफल होने से जहां मध्यप्रदेश, गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र की जनता को लाभ होगा वहीं सम्पूर्ण देश की संस्कृति और धर्म को पुनर्जीवित करने की दिशा में यह सार्थक प्रयास साबित होगी। श्री शाह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा अपने उद्बोधन में नर्मदा शुद्धिकरण के लिए बताए गए प्रयासों का सार्थक रूप से जमीनी स्तर पर क्रियान्वयन कराने की बात कही। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में मुख्यमंत्री श्री चौहान लंदन की टेम्स और चीन की ली नदी की तरह नर्मदा को भी शुद्ध नदियों की सूची में शामिल करवाने की दिशा में कार्य करें। इतनी ही तेजी से होगा गंगा शुद्धिकरण का कार्य श्री शाह ने गंगा नदी के संरक्षण व संवर्धन के लिए चलाए जा रहे नमामि गंगे अभियान की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस अभियान की तरह ही प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री भी माँ गंगा के शुद्धिकरण के लिए तेजी से कार्य करेंगे। 15 मई को प्रधानमंत्री की उपस्थिति में नर्मदा सेवा यात्रा का होगा समापन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 15 मई को माँ नर्मदा के उद्गम स्थल अमरकंटक में इस यात्रा का समापन होगा। समापन के दौरान देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी उपस्थित रहेंगे। समापन समारोह के बाद यात्रा समाप्त नहीं होगी। इसका नया आगाज होगा जिसके तहत ही 2 जुलाई को नर्मदा के किनारे वृहद् स्तर पर वृक्षारोपण किया जाएगा। अवैध उत्खनन पर जुर्माना नहीं वाहन किया जाएगा राजसात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान शासन के एक सख्त निर्णय की जानकारी भी मंच से दी। उन्होंने कहा कि अवैध उत्खनन को सरकार सख्ती से रोकेगी। अवैध उत्खनन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अवैध खनन करते पाए जाने पर जुर्माना करके वाहन नहीं छोड़े जाएंगे बल्कि वाहन सीधे राजसात किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में नशामुक्ति सम्मेलनों का आयोजन किया जाएगा। जिन जिलों में सामूहिक रूप से नशामुक्ति का संकल्प लिया जाएगा वहां शराबबंदी कर दी जाएगी। इतना ही नहीं चरणबद्ध तरीके से पूरे प्रदेश में शराबबंदी की जाएगी। पौधों की होगी मॉनीटरिंग मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पौध-रोपण में रोपे गए पौधे सुरक्षित रहें इसकी भी प्रभावी मॉनीटरिंग की जाएगी। उन्होंने कहा कि सीवेज का पानी नदी में नहीं मिलने दिया जाएगा। उसे ट्रीटमेंट प्लांट में ले जाकर ट्रीट करने के बाद खेतों में पहुंचाया जाएगा। नर्मदा प्रेरणा देने वाली नदी जनसंवाद में केन्द्रीय कोयला एवं ऊर्जा राज्य मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कहा कि नर्मदा पूज्यनीय और प्रेरणा देने वाली नदी है। हमारी न जाने कितनी पीढ़ियों को माँ नर्मदा ने जीवित रखा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान की नर्मदा सेवा यात्रा के माध्यम से नर्मदा संरक्षण के प्रयास की केन्द्रीय मंत्री श्री गोयल ने प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि यह प्रयास भारतीय संस्कृति को तो बचाएगा ही साथ ही प्रकृति की रक्षा भी करेगा। जल और बिजली के क्षेत्र में मध्यप्रदेश सरकार ने उठाए सार्थक कदम जो बनेंगे मिसाल केन्द्रीय कोयला एवं ऊर्जा मंत्री श्री गोयल ने जल और बिजली के क्षेत्र में मध्यप्रदेश सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की प्रशंसा की। प्रधानमंत्री की मंशानुरूप प्रदेश के मुख्यमंत्री ने सौर ऊर्जा को प्रोत्साहन दिया है। जहाँ नर्मदा सेवा यात्रा के माध्यम से माँ नर्मदा को प्रदूषण मुक्त करने का अभियान राज्य सरकार चला रही है वहीं सौर ऊर्जा के ऐसे प्रोत्साहन से प्रदूषण मुक्त बिजली भी प्रदेश को मिलेगी। देश के सुप्रसिद्ध पार्श्व गायक सुरेश वाडकर ने भी नर्मदा बचाव के लिए राज्य सरकार द्वारा प्रारंभ किए गए उपक्रम नर्मदा सेवा यात्रा की सराहना की। उन्होंने कहा कि जल को बचाना हम सबका फर्ज है। पुस्तक व विशेषांक का किया विमोचन, श्री बेगड़ का किया सम्मान जनसंवाद कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों द्वारा प्रसिद्ध स्तंभकार व लेखक श्री विठ्ल सी. नादकर्णी तथा छाया चित्रकार श्री हरि माहिधर की पुस्तक नमामि देवि नर्मदे – हितैषी माँ नर्मदा यात्रा का अनावरण किया गया। साथ ही नर्मदा यात्रा पर प्रकाशित दैनिक जयलोक के विशेषांक का भी विमोचन हुआ। कार्यक्रम में श्री अमृतलाल बेगड़ का भी सम्मान उपस्थित अतिथियों द्वारा किया गया। श्री शाह ने थामा ध्वज तो श्री चौहान ने उठाया पवित्र कलश ग्वारीघाट में आयुर्वेद महाविद्यालय परिसर में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने पहुँचे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने जहां नर्मदा सेवा यात्रा का ध्वज थामा वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी पवित्र कलश उठाया। दोनों ही अतिथियों ने ध्वज और कलश को लाकर माँ नर्मदा की प्रतिमा के सम्मुख स्थापित कर पूजा-अर्चना की। इस दौरान श्रीमती साधना सिंह भी मौजूद रहीं। स्वागत भाषण सांसद श्री राकेश सिंह ने दिया। कार्यक्रम का संचालन यात्रा के प्रदेश संयोजक डॉ जितेन्द्र जामदार ने किया। इस दौरान प्रदेश के वन मंत्री श्री गौरीशंकर शेजवार, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस, चिकित्सा शिक्षा मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री शरद जैन, नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री लाल सिंह आर्य, सांसद एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री नंद कुमार सिंह चौहान, विधायक अंचल सोनकर, प्रतिभा सिंह, नंदिनी मरावी, सुशील तिवारी इंदु व अशोक रोहाणी, समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष श्रीमती पद्मा शुक्ला, गौपालन एवं पशु संवर्धन बोर्ड के अध्यक्ष अखिलेश्वरानंद जी महाराज, जगतगुरू श्यामदेवाचार्य जी, यूएनआरसी के प्रतिनिधि मिस्टर यूरी सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ग्वारीघाट में माँ नर्मदा की महाआरती में शामिल हुए मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान अपनी धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह के साथ जबलपुर नर्मदा तट के प्रसिद्ध और मनोरम ग्वारीघाट में माँ नर्मदा की महाआरती में शामिल हुए। महाआरती में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह भी शामिल हुए। उन्होंने श्रद्धापूर्वक माँ नर्मदा की पूजा अर्चना की। कार्यक्रम में नर्मदाअष्टक और नर्मदा जी की आरती का संगीत के साथ समवेत स्वर में गान किया गया। महाआरती में जन-प्रतिनिधि, साधु-संत और विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि, बड़ी संख्या में नागरिक गण और नर्मदा भक्त मौजूद थे। नर्मदा के मनोरम तट ग्वारीघाट पर आज भव्य नर्मदा आरती का आयोजन किया गया। ग्वारीघाट को अच्छी तरह से सजाया गया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 April 2017

राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी

जन-संवाद कार्यक्रम में हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी  हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने कहा है कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा आरंभ की गई नर्मदा सेवा यात्रा हमारे अस्तित्व के लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण है। प्रो. सोलंकी रविवार को जबलपुर नगर में सेवा यात्रा के जन-संवाद को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जन-जन को यात्रा से जुड़ कर इसे एक विराट जनान्दोलन का स्वरूप देने के लिए आगे आना होगा। राज्यपाल प्रो. सोलंकी ने कहा कि प्रत्येक सरकार का कर्त्तव्य है कि उसके क्षेत्र में सर्वतोमुखी विकास सुनिश्चित हो। मध्यप्रदेश में एक प्रतिबद्ध और जन-सेवा को समर्पित सरकार के ईमानदार प्रयासों से प्रदेश की तस्वीर बदली है। पिछड़े प्रदेश के रूप में जाने जाने वाले मध्यप्रदेश ने विकास की दिशा में इतनी लम्बी छलांग लगाई है कि आज प्रदेश के सर्वतोमुखी विकास को देख सब आश्चर्यचकित हैं। प्रो. सोलंकी ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा न केवल प्रदेश और देश वरन सम्पूर्ण विश्व को प्रभावित कर रही है। प्रो. सोलंकी ने कहा कि मनुष्य का अस्तित्व जल, जंगल, जमीन, जानवर, जलवायु और जन पर निर्भर है। इस परिप्रेक्ष्य में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सबके भविष्य की चिन्ता की और नर्मदा सेवा यात्रा के माध्यम से मानव के अस्तित्व को खतरे से बचाने के सिलसिले में महत्वपूर्ण पहल की। राज्यपाल ने विश्वास व्यक्त किया कि श्री चौहान द्वारा आरंभ यह जनान्दोलन एक प्रभावशाली जन-जागरण अभियान साबित होगा। जनसंवाद में श्री वी.डी. शर्मा ने कहा कि नर्मदा यात्रा नदी संरक्षण का दुनिया का सबसे बड़ा अभियान है। उन्होंने कहा कि यात्रा आज सरकार एवं संत समाज के प्रबल प्रयासों से एक जनान्दोलन का स्वरूप ले चुकी है। समाज के सभी वर्ग, धर्म और क्षेत्र के लोग इसमें योगदान दे रहे हैं। श्री शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री ने नर्मदा को अविरल रूप से प्रवाहमान बनाने के उद्देश्य से तय किया है कि 2 जुलाई को नर्मदा जी के तटों पर 5 करोड़ वृक्ष लगाए जाएंगे। उन्होंने नर्मदा तटों से 5 किलोमीटर की दूरी तक नशाबंदी की दिशा में सरकार की पहल और अभियान के बाद आने वाले समय में नर्मदा संरक्षण के प्रयासों को जारी रखने के लिए गठित की जा रही नर्मदा सेवा समितियों का भी उल्लेख किया। इसके पूर्व सिन्धी धर्मशाला के सभागार में राज्यपाल प्रो. सोलंकी का पुष्प-वर्षा कर स्वागत किया गया। प्रो. सोलंकी ने नर्मदा ध्वज और कलश का पूजन कर कन्या-पूजन भी किया। अंत में राज्यपाल प्रो. सोलंकी ने उपस्थित जन-समुदाय को नर्मदा जी के संरक्षण के प्रति आम लोगों को जागरूक करने के साथ-साथ वृक्षारोपण, स्वच्छता, जल संरक्षण, प्रदूषण की रोकथाम, जैविक खेती को प्रोत्साहित करने, फलदार व छायादार वृक्षों एवं कृषि वानिकी के लिए उपयोगी पौधों को रोपने का संकल्प दिलाया। उन्होंने माँ नर्मदा की निर्मलता को अक्षुण्ण बनाए रखने का हरसंभव प्रयास करने एवं जन-समुदाय को भी इस दिशा में प्रेरित करने का भी आव्हान किया। इस मौके पर वन, योजना, आर्थिक-सांख्यिकी एवं जिला प्रभारी मंत्री डॉ गौरीशंकर शेजवार, किसान-कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री गौरीशंकर बिसेन, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री रूस्तम सिंह, चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री शरद जैन एवं पूर्व मंत्री श्री अजय विश्नोई, महामण्डलेश्वर अखिलेश्वरानंद महाराज, यात्रा के प्रदेश संयोजक डॉ जितेन्द्र जामदार तथा जन अभियान परिषद् के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री प्रदीप पाण्डे भी मौजूद थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 April 2017

जबलपुर

“नमामि देवि नर्मदे” - सेवा यात्रा आज जबलपुर के शहपुरा विकास खंड के बिलपठार ग्राम में पहुँची। यहाँ यात्रा का जन-जन ने स्वागत किया। इसके बाद विधायक श्रीमती प्रतिभा सिंह ने नर्मदा सेवा यात्रा समिति बिलपठार, रमखिरिया के सदस्यों की घोषणा की। उन्होंने जन-समुदाय को नर्मदा रक्षा का संकल्प भी दिलवाया। कमलगिरि बने तिलक बाबा श्री कमलगिरि अब तिलक बाबा के नाम से जाने जाते हैं। वे महेश्वर जिला खरगोन से नर्मदा यात्रा में 4 मार्च को शामिल हुए और यात्रा के अगले पड़ाव पहुँचने के पहले पहुँच कर लोगों को तिलक लगा रहे हैं। उन्होंने स्वयं की गाड़ी से लगभग एक हजार किलोमीटर और लगभग ड़ेढ लाख लोगों को तिलक लगाया है। वह यात्रा मार्ग में काँटें आदि की साफ-सफाई भी स्वेच्छा से कर रहे हैं। श्री विनय सिंह ने बताया कि उनके चंदन के तिलक से ठंडक प्राप्त होती है। लोग उनसे खुशी-खुशी तिलक लगवा रहे हैं। संत अखिलेश्वरानंद जी महाराज ने जन-संवाद में यात्रा का अध्यात्मिक और वैज्ञानिक महत्व समझाया। उन्होंने कहा कि पर्यावरणविद पर्यावरण की रक्षा करने को कहते हैं, यह कार्य प्रकृति के साथ छेड़-छाड़ नहीं करने से ही हो सकता है। इसके लिए पॉलीथिन का उपयोग करना मानव को बंद करना होगा। महाराज ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने नर्मदा यात्रा के उद्देश्य में स्वच्छता, पौध-रोपण, नशामुक्ति का संकल्प आदि का समावेश कर यात्रा को अभियान का रूप दिया है। उनके संकल्प के साथ उनकी पत्नि श्रीमती साधना सिंह यात्रा में शामिल रहती हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री और उनकी पत्नि द्वारा गोमती नदी के संरक्षण के लिए जिस प्रकार सत्-युग में मनु-सतरूपा ने काम किया था, उस प्रकार नर्मदा की रक्षा के लिए काम कर रहे हैं। उनके साथ ऋषि-मुनि भी इस अभियान में जुड़ रहे हैं। मुख्यमंत्री का संकल्प आज जन-जन का संकल्प बन गया है। उन्होंने नशामुक्ति के लिए शराबबंदी कर मुख्यमंत्री राजस्व संग्रहण का जल्द ही दूसरा विकल्प भी ढूंढेंगे। नर्मदा की निर्मल अविरल धारा के लिए यह अभियान अनुष्ठान बन गया है और अनुष्ठान से शक्ति प्राप्त होती है। महाराज ने कहा कि 2 जुलाई को एक करोड़ पौध-रोपण का काम किया जाएगा, जो 15 करोड़ पौधे लगाकर पूरा होगा। उन्होंने कहा कि जल संरक्षण के लिए मुख्यमंत्री ने जनता, संत-महात्मा और शासन-प्रशासन का त्रिभुज बनाया है। उन्होनें कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को महामंडलेश्वर बोलना चाहिए। उनकी वाणी से धारा-प्रवाह सदवचन निकलते हैं। यात्रा के प्रदेश संयोजक डॉ जितेन्द्र जामदार ने कहा कि माँ नर्मदा से प्राप्त बिजली से प्रदेश रोशन हो रहा है। नर्मदा-जल से प्रदेश की जल आपूर्ति हो रही है और प्रदेश की 60 प्रतिशत भूमि को सिंचित कर भोजन की व्यवस्था कर रही है। ऐसी बिजली, पानी और भोजन देने वाली नर्मदा की जन-जन को चिंता करनी होगी। वृक्ष नर्मदा के लिए बैंक का काम करते हैं। वृक्षों के जरिए ही नर्मदा को जल प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि किसानों को रसायनिक कृषि छोड़कर जैविक कृषि अपनानी होगी। संचालन जिला भाजपा (ग्रामीण) अध्यक्ष श्री शिव पटेल ने किया। कार्यक्रम में लोगों के हाथों में स्वच्छता का संदेश दिखा। इस मौके पर मंडी अध्यक्ष श्री नीरज सिंह, सरपंच, जन-प्रतिनिधि सहित जन-समुदाय उपस्थित था।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 April 2017

नर्मदे यात्रा

'नमामि देवी नर्मदे''-सेवा यात्रा स्वर्णिम मध्यप्रदेश की आधार-शिला बनेगी। यात्रा के माध्यम से माँ नर्मदा ही नहीं अन्य नदियों के संरक्षण के प्रति लोगों में जागरूकता आएगी। नदियाँ यदि संरक्षित होंगी तो प्रदेश का विकास सुनिश्चित है। वक्ताओं ने यह बातें यात्रा के 115वें दिन जबलपुर जिले के ग्राम जमखार, गुदरई, सुनाचर, मनकेड़ी, कुसली, इमालिया, उमारिया, सुरई और नटवारा में जनसंवाद में कही। मुस्लिम भाइयों ने किया यात्रा का स्वागत जबलपुर जिले के ग्राम उमरिया में मुस्लिम भाइयों ने पुष्प-वर्षा कर यात्रा का स्वागत किया। श्री शेख रूस्तम खॉन ने सिर पर नर्मदा कलश रखकर यात्रा में सह-भागिता की। इनके साथ ही जमील भाई, अमील भाई, शेख बशीर ,शेख नूर मोहम्मद, शेख शुकरुद्दीन सहित अन्य मुस्लिम भाई यात्रा का ध्वज लेकर चले। जन-संवाद में महामंडलेश्वर अखिलेश्वरानंद गिरि ने बताया कि नर्मदा नदी की उत्पत्ति भगवान शंकर के पसीने से हुई है। माँ नर्मदा को भगवान शिव ने आशीर्वाद दिया था कि उसका हर कंकर शंकर होगा। उन्होंने बताया ‍कि माँ नर्मदा ने अपनी कमज़ोर होती सहेली शिप्रा, गंभीर और साबरमती नदी को जीवनदान दिया है। अब हमें नर्मदा की क्षीण होती धारा को सशक्त बनाना है। स्वामी जी ने बताया कि 2 जुलाई को नर्मदा के दोनों तटों पर एक-एक किलोमीटर की परिधि में मिट्टी की तासीर के अनुसार पौधे लगाए जायेंगे। स्वामी जी ने स्वागतम् लक्ष्मी योजना में एक बच्ची का कल्याणी नामकरण किया। यह नर्मदा के नामों में से एक नाम है। यात्रा के प्रदेश संयोजक डॉ जितेन्द्र जामदार ने कहा कि माँ नर्मदा का कर्ज़ चुकाने के लिये यह यात्रा निकाली गई है। उन्होंने कहा कि अपनी माँ तो सिर्फ डेढ़-दो साल ही दूध पिलाती है जबकि मॉं नर्मदा जन्म से लेकर मृत्यु तक जल पिलाती है। डॉ जामदार ने बताया कि नर्मदा नदी को जानवर नहीं मानव ही दूषित करते हैं। अत: इसे स्वच्छ करने की जिम्मेदारी भी हमारी ही है। विधायक श्रीमती प्रतिभा सिंह ने जन-समुदाय को नदी संरक्षण, पर्यावरण संरक्षण, नशा मुक्ति, पौध-रोपण, जैविक खेती और बेटी बचाओ - बेटी पढ़ाओ का संकल्प दिलाया। उन्होंने नर्मदा सेवा समिति के सदस्यों के नामों की घोषणा भी की। जन-संवाद में नदी संरक्षण और स्वच्छता के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने वाली ग्राम पंचायतों के सरपंच और सचिव को सम्मानित किया गया। ग्राम मेरागांव के सरपंच ने हिरण नदी से 1100 ट्राली जलकुंभी निकलवाई है। यात्रा का हर गाँव में ढोल-ढमाकों के साथ ग्रामीणों ने स्वागत किया। हर गाँव में नर्मदा कलश और ध्वज की पूजा की गई।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 April 2017

ऑर्डनेंस फैक्‍टरी बम फाटे

    जबलपुर की आयुध निर्माणी खमरिया में शनिवार शाम करीब 6 बजे एक के बाद एक 200 से ज्यादा बमों के फटने के धमाके हुए। इससे आसपास का पूरा क्षेत्र दहल गया। आग की लपटें डेढ़ से 2 किमी दूर से दिखाई दे रही हैं। निर्माणी के एफ-3 सेक्शन में यह घटना बॉर वैगन में 125एमएम (एंटी टैंक एम्युनेशन) बमों की लोडिंग करते समय हुई। बमों में धमाके होते ही कर्मचारियों में भगदड़ की बन गई। धमाकों के तुरंत बाद फैक्ट्री के सभी गेट बंद कर दिए गए। इससे शाम की शिफ्ट के करीब डेढ़ सौ कर्मचारी अंदर ही फंस गए। एफ-3 सेक्शन की बिजली सप्लाई भी बंद कर दी गई है, ताकि शार्ट सर्किट से कहीं और बमों में विस्फोट न हो। धमाकों की आवाज सुनकर कर्मचारियों के परिजन और कर्मचारी नेताओं की भीड़ खमरिया के गेट नं.1, 3 के सामने लग गई। हर मिनट में दो से तीन बम धमाकों की आवाज गूंज रही थी। आयुध निर्माणी की फायर ब्रिगेड ने मौके पर आग बुझाना शुरू कर दिया था, वहीं नगर निगम, जीसीएफ और व्हीकल फैक्टरी की फायर ब्रिगेड भी आग बुझाने में लगी हुई हैं। घटना की जानकारी मिलते ही कलेक्टर और एसपी सहित पुलिस-प्रशासन का अमला भी मौके पर पहुंच गया है। आसपास के गांवों में दहशतखमरिया में होने वाले धमाकों की आवाज सुनकर रांझी, मानेगांव, रिठौरी, बिलपुरा, चंपानगर, पिपरिया आदि क्षेत्र में खलबली मच गई। दहशत के कारण लोग घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों के लिए शहर की तरफ भागे। आग की लपटें देखकर ईस्टलैंड, वेस्टलैंड और आस-पास के गांवों में बसे कर्मचारियों के परिवार के लोग दौड़-भागकर खमरिया फैक्ट्री पहुंच रहे हैं। वहीं यह घटना होने के बाद निर्माणी के अधिकारियों ने फोन पर बात करना तक बंद कर दिया है। कर्मचारी नेता बताते हैं कि एफ-3 सेक्शन में बमों की फिलिंग (खोल में बारूद भरना) का काम होता है। इसके बाद बमों को पास की बिल्डिंग नंबर 324 में स्टोर करके रखा जाता है। इस बिल्डिंग में करीब 12 हजार 500 से ज्यादा बम स्टोर हैं। एक बम गिरने से वह फट गया और इसके बाद एक के बाद एक लगातार बमों में धमाके होते रहे। वहीं कुछ कर्मचारियों का कहना है कि गर्मी बढ़ने की वजह से भी बम फट सकते हैं। हालांकि, कारणों का खुलासा विस्तृत जांच के बाद ही होगा।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 March 2017

मुख्य न्यायाधिपति जस्टिस  हेमंत गुप्ता

  राज्यपाल  ओम प्रकाश कोहली ने मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के नवनियुक्त मुख्य न्यायाधिपति जस्टिस श्री हेमंत गुप्ता को आज राजभवन में पद की शपथ दिलाई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, वित्त मंत्री श्री जयंत मलैया, स्कूल शिक्षा मंत्री कुँवर विजय शाह, विधि एवं विधायी मंत्री श्री रामपाल सिंह, सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री श्री लाल सिंह आर्य, पशुपालन, मछुआ कल्याण मंत्री श्री अंतर सिंह आर्य भी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन मुख्य सचिव श्री बसंत प्रताप सिंह ने किया। शपथ ग्रहण समारोह में राज्य निर्वाचन आयुक्त  आर. परशुराम, सूचना आयुक्त श्री पी.पी तिवारी, पुलिस महानिदेशक  ऋषि कुमार शुक्ला, प्रदेश के न्यायालयों के न्यायाधीश, विधि, प्रशासन और पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारी, अभिवक्ता तथा पत्रकार और गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 March 2017

ias mohanti

  एमपी के एसीएस और माध्यमिक शिक्षा मंडल के अध्यक्ष एसआर मोहंती के खिलाफ चल रही ईओडब्ल्यू की जांच को हाईकोर्ट ने आज खारिज कर दिया है। हाईकोर्ट के जस्टिस गंगेले और जस्टिस श्रीवास्तव की डबल बेंच ने साफ कहा कि ईओडब्ल्यू की जांच सुप्रीम कोर्ट के निदेर्शों के मुताबिक नहीं हो रही थी। सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा था कि पूरे मामले की जांच नए सिरे से होनी चाहिए लेकिन ईओडब्ल्यू ऐसा नहीं कर रही है। इसके साथ ही हाईकोर्ट ने मोहंती के खिलाफ जारी की गई अभियोजन की मंजूरी को भी खारिज कर दिया। कोर्ट ने आदेश में यह भी कहा है कि जब सुप्रीम कोर्ट का निर्देश फ्रेश इन्क्वायरी करने का था तब वर्ष 2004 से वर्ष 2011 के बीच के दस्तावेजों का इस्तेमाल क्यों किया जा रहा था? हाईकोर्ट ने कहा है कि अगर ईओडब्ल्यू को दोबारा जांच करनी है तो वह नए सिरे से पूरी जांच को शुरू करे और 2011 के पहले की केस डायरी और दूसरे दस्तावेजों का उपयोग इसमें नहीं किया जाएगा। उसे पूरी जांच नए सिरे से करनी होगी और दस्तावेजों के लिए भी उसी तरह से काम करना होगा। गौरतलब है कि इस जांच के खिलाफ मोहंती हाईकोर्ट चले गए थे। जहां पर बुधवार को अपना फैसला सुनाते हुए हाईकोर्ट ने साफ कर दिया कि मोहंती के खिलाफ जारी जांच को खारिज किया जाता है क्योंकि ईओडब्ल्यू ने नए सिरे से जांच नहीं की है जबकि सुप्रीम कोर्ट ने नए सिरे से जांच करने के निर्देश दिए थे। इतना ही नहीं, अभियोजन की मंजूरी को भी खारिज कर दिया है। दरअसल कोर्ट में सुनवाई के दौरान ईओडब्ल्यू 1994 में कैबिनेट के उस फैसले का प्रूफ नहीं दे पाया जिसके आधार पर यह मामला बनाया गया था। जानकारी के मुताबिक ईओडब्ल्यू ने कहा है कि 1994 में कैबिनेट ने यह निर्णय लिया था कि एमपीएसआईडीसी व्यापारियों को कोई लोन नहीं देगा। जब कैबिनेट के इस फैसले की कापी कोर्ट ने मांगी तो ईओडब्ल्यू के अफसर इसे पेश नहीं कर पाए। सूत्रों का कहना है कि 1994 में कैबिनेट का इस तरह का कोई फैसला हुआ ही नहीं था। ईओडब्ल्यू ने अपनी रिपोर्ट में 719 करोड़ रुपए के घोटाले की बात कही थी लेकिन यह फिगर वह अपनी रिपोर्ट में साबित नहीं कर सका। दरअसल जिस आकंड़े को बढ़ा चढ़ाकर पेश किया गया था, वह फर्जी निकला। इसी आधार  पर मोहंती को हाईकोर्ट से राहत मिल गई। उनके खिलाफ पिछले दिनों अभियोजन की मंजूरी सरकार की ओर से उस समय जारी की गई थी जब उनका नाम मुख्य सचिव के लिए चल रहा था। इसे सरकार के अंदर अफसरों की खींच-तान से जोड़कर देखा जा रहा था। मध्यप्रदेश के चुनिंदा और आक्रामक शैली के अफसरों में एसआर मोहंती का नाम गिना जाता रहा है। मोहंती के खिलाफ राजनीतिक लोग कम सक्रिय दिखाई दिए बल्कि उनकी बिरादरी से जुड़े कई आईएएस अफसरों ने उन्हें अपने-अपने स्तर पर उलझाए रखने की हर संभव कोशिश की ताकि वे प्रदेश के मुख्य सचिव न बन सकें। बुधवार को कोर्ट के फैसले के बाद यही अफसर बगलें झांकते हुए दिखाई दे रहे हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 March 2017

जबलपुर भेड़ाघाट

  जबलपुर भेड़ाघाट के सरस्वती घाट में मिली दो इंजीनियरिंग  छात्राओं की लाश,पुलिस ने की दोनो की शिनाख्त की। इन छात्राओं का नाम नेहा और काजल बताया गया है के मैहर की रहने वाली है।  पुलिस ने बताया कि दोनों छात्राएं जबलपुर के श्रीराम कॉलेज से पढाई कर रही थीं। दोनों  2 फ़रवरी से थी लापता थीं जिसकी  मढ़ोताल थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज हुई थी। पुलिस पूरे  मामले की जाँच कर रही है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 February 2017

ajay vishnoi

पूर्व मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता और वर्तमान में भाजपा के नीति शोध विभाग के संयोजक अजय विश्नोई ने कटनी हवाला मामले में मंत्री संजय पाठक से इस्तीफा देने की मांग की है। विशेनोई का कहना है कि जब वे(विश्नोई)प्रदेश के मंत्री थे तब उनके भाई के यहां आयकर विभाग ने छापा मारा था और तब अजय विश्नोई ने नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे दिया था।तीन साल की जांच के बाद जब विश्नोई के भाई इस मामले में बेदाग साबित हुऐ तब अजय विश्नोई वापस राज्य सरकार में मंत्री बन गये।अजय विश्नोई ने भाजपा से सवाल पूछा है कि जब मेरे भाई पर आरोप लगने के कारण मैने सिर्फ इसलिये इस्तीफा दे दिया कि मेरे कारण पार्टी और सरकार पर आंच न आये तो संजय पाठक ऐसा क्यों नही कर रहे।  विश्नोई ने भाजपा से पूछा है कि क्या अब और तब की पार्टी की सोच में अंतर आ गया या फिर पार्टी की परम्पराये बदल गयी।अजय विश्नोई ने यह भी कहा कि मेरे और संजय में शायद यह अंतर है कि मैं पार्टी का वर्षों पुराना निष्ठावान कार्यकर्ता हू और संजय अभी पार्टी में आये हैं।विश्नोई में पार्टी से यह भी साफ करने को कहा कि क्या संजय पाठक के लिये शुचिता का पालन करना जरुरी नही।विश्नोई भाजपा के तीसरे ऐसे नेता है जिन्होने कटनी हवाला मामले में पार्टी से अपना रोष व्यक्त किया है।इसके पहले पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर और सांसद प्रहलाद पटेल ,रघुनन्दन शर्मा भी असंतोष जाहिर कर चुके हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 January 2017

jabalpur

जबलपुर के चेरीताल स्थित पारिजात बिल्डिंग के सामने रात सवा 10 बजे अज्ञात हमलावरों ने कांग्रेस नेता राजू मिश्रा (34) और उसके साथी हिस्ट्रीशीटर कुक्कू पंजाबी (28) की बीच सड़क पर गोली मारकर हत्या कर दी। हमलावरों ने दमोहनाका-बल्देवबाग सड़क पर दोनों को घेरकर 25 से 30 राउंड गोलियां चलाईं। इसके बाद बदमाश भाग निकले। गोलियों की आवाज से अफरा-तफरी मच गई। आसपास के लोग सड़क पर ही अपना वाहन छोड़ जान बचाकर भाग निकले। हत्या का कारण अभी अज्ञात है। पारिजात बिल्डिंग के ठीक पीछे राजू मिश्रा का घर है। वह रात को अपने घर पर था। उसी समय कुक्कू ने फोन कर उसे बाहर बुलाया। दोनों बात करते-करते दूसरी ओर दमोहनाका-बल्देवबाग रोड स्थित कुंभारे हेल्थ क्लब तक पहुंचे। दोनों खड़े होकर बात करने लगे। इसी दौरान 6-7 मोटरसाइकिल सवार हमलावर पहुंचे और दोनों को घेर लिया। देखते ही देखते अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी गई। आसपास के लोग जब तक कुछ समझ पाते, तब तक हमलावर फायरिंग करके भाग निकले। राजू और कुक्कू मौके पर तड़पते रहे। कुक्कू को आंख में और राजू को पेट में एक-एक गोली लगी थी। आसपास खड़े लोगों ने दोनों को तत्काल उपचार के लिए मेट्रो अस्पताल पहुंचाया जहां देर रात डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। अस्पताल में देर रात तक कांग्रेस और भाजपा नेताओं की भीड़ लगी रही। पुलिस ने शवों को पीएम के लिए मेडिकल पहुंचा दिया। कुक्कू पंजाबी हिस्ट्रीशीटर है। जो लगभग 20 दिन पहले ही जेल से छूटा है। कुक्कू पर हत्या के "ङयास सहित 20 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। इसके अलावा पारिवारिक प्रापर्टी विवाद भी है। राजू मिश्रा नगर निगम चुनाव के दौरान राजीव गांधी वार्ड से पार्षद पद के लिए कांग्रेस का प्रत्याशी रहा है। चुनाव के करीब एक साल बाद राजू मिश्रा के भाई का भी दमोहनाका क्षेत्र में विवाद हुआ था। उस दौरान उस पर भी फायरिंग हुई थी जिसमें उसे एक गोली लगी थी। इधर, डबल मर्डर के बाद मौके पर एसपी एमएस सिकरवार के अलावा क्राइम ब्रांच की टीम भी पहुंच गई थी। पुलिस का कहना है कि हत्या का कारण अज्ञात है लेकिन हत्यारे जिन गाड़ियों में आये थे उनमें से एक गाड़ी का नंबर ट्रेस कर लिया गया है। सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 January 2017

shivraj singh

    वर्ल्ड रामायण कान्फ्रेंस में शिवराज  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भगवान राम जन-मानस के रोम-रोम में और हमारी साँस में बसे हैं। वे हमारा अस्तित्व, हमारे आराध्य और हमारे प्राण हैं। उन्होंने कहा कि भगवान श्री राम पर लिखित ग्रंथ रामायण अपने आप में अद्वितीय है। ग्रंथ में भगवान राम के व्यक्तित्व एवं कृतित्व का मनमोहक चित्रण किया गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज जबलपुर में वर्ल्ड रामायण कान्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भगवान राम हमारे दैनिक जीवन में इस तरह से जुड़े हैं कि ठेठ गाँव से लेकर शहरों तक में आज भी लोग आपस में मिलने पर राम-राम जरूर करते हैं। सामान्य व्यक्ति तकलीफ और दु:ख की स्थिति में अपने भगवान राम को याद करता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी मूलभूत अवधारणा है कि राम समस्त जड़-चेतन में मौजूद है। एक ही चेतना पूरे ब्रह्माण्ड में व्याप्त है और वह है राम। मुख्यमंत्री ने कहा कि रामायण आज के दौर में नैतिकता की प्रेरणा देने वाला सर्वश्रेष्ठ ग्रंथ है। उन्होंने कहा कि रामकथा पर केन्द्रित रामायण में आदर्श माता-पिता, भाई और सेवक आदि का उल्लेख समाज के लिये प्रेरणादायक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 'नमामि देवी नर्मदे'- नर्मदा सेवा यात्रा का उल्लेख करते हुए कहा कि नदियाँ केवल जल वाहिकाएँ नहीं, बल्कि साक्षात माँ का रूप हैं। उन्होंने कहा कि पर्यावरण की अनदेखी से जीवन-रेखा नर्मदा की जल-धार लगातार सिमटती जा रही है। मनुष्य ने निहित स्वार्थों के कारण नर्मदा के किनारे के वृक्षों को काटा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्‍य सरकार ने नर्मदा को पुन: वेगवती बनाने का संकल्प लिया। अब नर्मदा के दोनों तट पर बड़े पैमाने पर पौध-रोपण किया जायेगा। जन-भागीदारी से माँ नर्मदा को हम हरियाली चुनरी ओढ़ा देंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा नदी का पानी साफ रहे, इसके लिये जगह-जगह पर ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि नर्मदा नदी के तटों के ग्राम में अगले वर्ष से शराब की दुकाने नहीं रहेंगी। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सह सरकार्यवाहक डॉ. कृष्णगोपाल ने कहा कि मर्यादा पुरूषोत्तम राम का जीवन चरित्र लोगों के मन में इस प्रकार बैठ गया कि वह हर दिन नया लगता है। उन्होंने कहा कि देश की कोई ऐसी प्रांतीय भाषा नहीं है, जिसमें राम के चरित्र का वर्णन न हो। कान्फ्रेंस को संस्कृति राज्य मंत्री श्री सुरेन्द्र पटवा और आयोजन समिति के अध्यक्ष पूर्व मंत्री श्री अजय विश्नोई ने भी संबोधित किया। इस मौके पर स्मारिका का भी विमोचन किया गया। कान्फ्रेंस में परमपूज्य स्वामी श्यामदेवाचार्य जी महाराज, श्री अखिलेश गुमाश्ता, डॉ. बलराम सिंह, महापौर डॉ. स्वाति गोडबोले, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मनोरमा पटेल, प्रमुख सचिव संस्कृति श्री मनोज श्रीवास्तव और श्री अशोक मनोध्या भी मौजूद थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 December 2016

jablpur

जबलपुर में  युवतियों से परिचय बनाकर उन्हें अपने फ्लैट में बुलाना और युवकों से रुपए की बात तय करके उन युवतियों के साथ रंगरलिया मनाने का व्यापार एक महिला अपने फ्लैट से चला रही थी। सूचना पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और दबिश देकर दो युवकों और दो युवतियों और आरोपी महिला को गिरफ्तार किया। महिला पर देह व्यापार करने का मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। साथ ही युवक और युवतियों से पूछताछ की जा रही है। कोतवाली टीआई प्रफुल्ल श्रीवास्तव ने बताया कि शनिवार की शाम सूचना मिली कि महेश भवन गोपाल सदन के पास एक महिला अकेली फ्लैट में रहती है। जो युवतियों को अपने संपर्क में रखती है और फिर अपने घर में युवकों को बुलाती है। जिनसे रुपए लेकर वह देह व्यापार करा रही है। जिसपर वह स्टाफ के साथ मौके पर पहुंचे और दबिश दी। दबिश के दौरान फ्लैट के अंदर के कमरों में दो युवक और दो युवतियां संदिग्ध हालत में मिले। पुलिस जब अंदर युवक-युवतियों को पकड़ने के लिए घुसी तो महिला ने घर से भागने की कोशिश की। लेकिन उसे पुलिस ने पकड़ लिया। इसके बाद उन पांचों को गिरफ्तार कर थाने ले गए। महिला कई माह से यह काम कर रही है। लेकिन वह पहले बड़े ही छिपे तरीके से करती थी और पुलिस के आने की सूचना मिलते ही वह युवक-युवतियों को भगा देती थी। लेकिन इस बार पुलिस योजनाबद्ध तरीके से उसके फ्लैट में पहुंची थी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 November 2016

dr jitendr jamdar

  भारतीय जनता पार्टी मध्यप्रदेश अध्यक्ष व सांसद  नंदकुमार सिंह चौहान ने प्रख्यात समाजसेवी डॉ. जितेन्द्र जामदार (जबलपुर) को नमामि देवी नर्मदे प्रकल्प का प्रदेश संयोजक नियुक्त किया है। डॉ. जामदार महाकौशल क्षेत्र के प्रख्यात चिकित्सक और समाजसेवी है। समाज और पर्यावरण के क्षेत्र में उनकी गहरी रूचि और विशेषज्ञता को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष ने यह निर्णय किया है। मध्यप्रदेश सरकार द्वारा जो ‘नमामि देवी नर्मदे’ अभियान 11 दिसंबर से प्रारंभ होने वाला है, उस अभियान में भाजपा की ओर से समन्वय का संपूर्ण दायित्व डॉ. जामदार निभायेंगे। नर्मदा जी के सर्वांगीण विकास जैसे- स्वच्छता, वृ़क्षारोपण आदि की दिशा में सरकार द्वारा किये जाने वाले समग्र प्रयासों में संगठन की व्यापक भागीदारी तय करने के लिए डॉ. जामदार स्थान-स्थान पर नर्मदा सेवक समन्वयकों की नियुक्ति कर नर्मदा जी के प्रति जन-जागरण के कार्य को प्रभावी ढंग से आगे बढ़ायेंगे। मां नर्मदा के प्रति पूर्व से ही समाज के भीतर अगाध श्रद्धा है, इस श्रद्धा को एक सतत् कार्य में विकसित किया जा सके, यह सामाजिक प्रयास भारतीय जनता पार्टी संपूर्ण निष्ठा के साथ कर रही है। श्री चौहान ने आशा व्यक्त की है कि माता नर्मदा के तटों को न सिर्फ सुरक्षित किया जायेगा, बल्कि वे हरे-भरे हों और नदी की धारा निर्मल स्वरूप में प्रवाहित हो सके, इसके लिए भाजपा भरसक प्रयत्न कर रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 November 2016

narmada

जबलपुर में  परम पुनीत कार्तिक मास की पूर्णिमा पर आज नर्मदा में डुबकी लगाने वाले भक्तों के पाप नष्ट हो जाएंगे। ऐसी मान्यता के साथ आज सुबह से नर्मदा तटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। शास्त्रों, वेद एवं पुराणों के अनुसार कार्तिक पूर्णिमा में पवित्र स्नान करने से सौ जन्मों के पाप समाप्त हो जाते हैं और जीव को सभी तीर्थ में स्नान का पुण्य फल प्राप्त होता है। कार्तिक के पूरे महीने व्रत स्नान नहीं कर पाने वाले  केवल आज कार्तिक पूर्णिमा में पवित्र स्नान करने से मोक्ष का गामी हो जाता है। इसीलिए आज कार्तिक पूर्णिमा पर ग्वारीघाट, तिलवाराघाट, भेड़ाघाट, लम्हेटाघाट, सरस्वती घाट सहित शहर से लगे तमाम नर्मदा तटों पर भक्तों का मेला लगा है। लोग बड़ी संख्या में नर्मदा स्नान कर दान-पुण्य कर रहे हैं। सुबह से शुरु हुआ स्नान दान का क्रम रात तक चलेगा। आचार्य पं.वीरेन्द्र दुबे ने बताया कि कार्तिक माह अत्यधिक पवित्र माना जाता है। इस माह में की गई पूजा तथा व्रत से ही सभी तीर्थ यात्राओं के बराबर शुभ फलों की प्राप्ति हो जाती है। कार्तिक माह के महत्व के बारे में स्कन्द पुराण, नारद पुराण, पद्म पुराण आदि प्राचीन ग्रंथों में उल्लेख मिलता है। कार्तिक माह में किए स्नान का फल, एक सहस्र बार किए गंगा स्नान के समान, सौ बार माघ स्नान के समान है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 November 2016

shivraj jablpur

जबलपुर में सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का शिलान्यास   केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री जगत प्रकाश नड्डा ने कहा है कि मध्यप्रदेश सरकार की ईमानदार कोशिशों के चलते प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने की दिशा में सराहनीय प्रगति हुई है। राष्ट्रीय पैमाने पर भी प्रदेश की स्थिति में सुखद बदलाव आया है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतरी के लिए सभी जरूरी कदम उठाए हैं। सरकार निर्धन तबके के लोगों तक स्वास्थ्य सुविधाएँ पहुँचाने के लिए प्रयत्नशील है। श्री नड्डा और श्री चौहान जबलपुर में मेडिकल कॉलेज में प्रस्तावित सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक के शिलान्यास कार्यक्रम में बोल रहे थे। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री  नड्डा ने कहा कि 150 करोड़ की लागत से तैयार होने वाला यह ब्लॉक आम लोगों को उच्च स्तरीय चिकित्सा मुहैया करवाने में मददगार होगा। श्री नड्डा ने विभिन्न स्वास्थ्य सूचकांकों को बेहतर बनाने में प्रदेश के योगदान को रेखांकित किया। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने जबलपुर में 120 करोड़ रूपए लागत से स्टेट कैंसर इंस्टीटयूट की स्थापना और एक ट्रामा यूनिट की भी घोषणा की। साथ ही एक सीजीएचएस डिस्पेंसरी की घोषणा की। श्री नड्डा ने अमृत कार्यक्रम का उल्लेख करते हुए कहा कि 2000 प्रकार की दवाइयाँ एमआरपी से 60 से 90 फीसदी कम दामों में उपलब्ध करवाई जा रही है। स्थान उपलब्ध करवाने पर इस योजना में मध्यप्रदेश में रिटेल स्टोर खोले जाएंगे। उन्होंने भरोसा दिलाया कि स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार और स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतरी के लिए राज्य सरकार के प्रयासों में हर जरूरी मदद दी जाएगी। मुख्यमंत्री चौहान ने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री की घोषणाओं पर आभार जताया। श्री चौहान ने कहा कि सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक के तैयार होने से जबलपुर और निकटवर्ती जिलों के लोगों को इलाज के लिए बाहर जाने की मजबूरी से निजात मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि किसी भी सरकार के लिए अपनी जनता को बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएँ उपलब्ध करवाना सबसे बड़ा दायित्व है। उन्होंने कहा कि राज्य बीमारी सहायता योजना में दो लाख रूपए तक के अधिकार कलेक्टरों को सौंपे गए हैं। हमारा प्रयास है कि किसी भी व्यक्ति को आर्थिक विपन्नता के चलते इलाज से वंचित न रहना पड़े। मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान की राशि दो से बढ़ाकर सौ करोड़ की गई है जिससे जरूरी होने पर निजी अस्पतालों में भी बीमार का इलाज सुनिश्चित किया जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना में बच्चों के हृदय रोग के उपचार के कदम उठाए गए हैं। उन्होंने थैलीसीमिया रोग से ग्रस्त बच्चों के बोनमैरो ट्रांसप्लान्ट के लिए नई योजना पर विचार का भी जिक्र किया। केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री  फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि ब्लॉक के तैयार होने से जबलपुर सहित पूरे महाकौशल के लोगों के लिए उत्कृष्ट चिकित्सा सुविधाएँ उपलब्ध होंगी। उन्होंने कहा कि निर्धन तबके के बीमार लोगों तक स्वास्थ्य सुविधाएँ पहुँचाने की दिशा में केन्द्र और मध्यप्रदेश सरकार ने महत्वपूर्ण पहल की है। प्रदेश के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री  रूस्तम सिंह ने कहा कि ब्लॉक के तैयार होने से सात बीमारियों के इलाज के लिए स्पेशियलिटी उपलब्ध होगी। चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  शरद जैन ने कहा कि डेढ़ सौ करोड़ की लागत वाले इस ब्लॉक के तैयार होने से बड़ी संख्या में नागरिक लाभान्वित हो सकेंगे। सांसद श्री राकेश सिंह ने भी संबोधित किया। प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के संयुक्त सचिव सुनील शर्मा ने कहा कि सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का कार्य दिसम्बर 2017 तक पूरा कर लिया जाएगा। ब्लॉक में 206 बेड रहेंगे। इसमें 7 महत्वपूर्ण विभाग को सम्मिलित किया गया है। अस्पताल भवन में 6 आपरेशन थियेटर, 30 आईसीयू बेड, 8 प्राइवेट रूम तथा 18 डायलिसिस बेड भी उपलब्ध होंगे।मुख्यमंत्री श्री चौहान एवं केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री नड्डा ने मुख्यमंत्री बाल ह्मदय उपचार योजना में हृदय रोगी बच्चों के इलाज के लिए कार्य-आदेश भी प्रदान किए।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 November 2016

lata aelkar

अनुसूचित जनजाति मोर्चा अध्यक्ष बने  गजेंद्र पटेल भाजपा के मध्यप्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान ने बुधवार को तीन मोर्चा अध्यक्षों की घोषणा कर दी। अभिलाष पांडे को युवा मोर्चा का अध्यक्ष बनाया गया है। महिला मोर्चा की अध्यक्ष लता एलकर तथा अनुसूचित जनजाति मोर्चा अध्यक्ष के रूप में गजेंद्र पटेल की घोषणा की गई है। मिशन 2018 की रणनीति मिशन 2018(विधानसभा चुनाव) को देखते हुए संगठन महामंत्री सुहास भगत अपने सिरे से टीम तैयार करना चाहते हैं। ऐसी पहले से ही उम्मीद थी कि मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष के पदों पर फेरबदल होगा या वे अपनी उम्मीदों पर खरा उतरे नेताओं को मौका देंगे। अभिलाष पांडे ने जबलपुर से अखिल भारती विद्यार्थी परिषद से अपनी छात्र राजनीती की शुरुवात की । विद्यार्थी परिषद् में नगर से लेकर प्रदेश मंत्री के दायित्व का निर्वहन किया , छात्र राजनीती में काम करते हुए म,प्र, में कई आंदोलनो के आंदोलन  संयोजक के रूप में नेतृत्व किया ।  और कई  बार पुलिस प्रसासन के साथ संघर्ष किया और लाठिया भी खाई ,और जेल भी गए ।10 साल परिषद्  में काम किया । 2 बार दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र संघ चुनाव में जिम्मेदारी का सफलता पूर्वक निर्वहन किया ।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 October 2016

suresh prbhu

    रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने नई ब्राडगेज लाइन पर जबलपुर से सुकरी मंगेला तक ट्रेन का मंच से बटन दबा ग्रीन सिग्नल देकर शुभारंभ किया। इस दौरान उनके साथ सीएम शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद रहे। नैरोगेज को ब्रॉडगेज में बदलने में रेलवे को 38 साल लग गए। पहली बार मंगलवार को यात्रियों को लेकर पैसेंजर ट्रेन जबलपुर के मदलमहल स्टेशन से सुकरी मंगेला के लिए रवाना हुई। 46 किमी की दूरी ट्रेन 30 किमी की रफ्तार से तय करेगी। जबलपुर-सुकरी पैसेंजर चलने से यात्रियों को आवागमन में राहत मिलेगी। मदन महल टर्मिनल- मुख्य स्टेशन से ट्रेनों के लोड कम होगा। मुख्य रेलवे स्टेशन में वाईफाई सुविधा से पैसेंजर को मुफ्त इंटरनेट मिलेगा। इसके साथ ही मुख्य रेलवे स्टेशन में वाटर वेडिंग मशीन से प्लेटफार्म पर सस्ता आरओ वाटर मिलेगा। 1978 से जगी थी आस जबलपुर से महाराष्ट्र के गोंदिया तक 285.4 5 किमी नैरोगेज थी। इस ट्रैक का ब्रॉडगेज में बदलने के लिए 1978 में योजना बनी थी। सर्वे कार्य शुरू किया गया। इसके बाद प्रोजेक्ट पर कोई कार्य नहीं हुआ। 1996-97 में रेलवे बोर्ड ने प्रोजेक्ट को स्वीकृति दे दी। तीन गुना ज्यादा बढ़ गई लागत : शुरुआत में इस प्रोजेक्ट के लिए 386.30 करोड़ का बजट तय किया गया। लेकिन प्रोजेक्ट की देरी की वजह से इसकी लागत तीन गुना से ज्यादा बढ़ गई। इस समय लागत लगभग 12 सौ करोड़ हो गई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 October 2016

 महर्षि वाल्मीकी सीता आश्रम बनाये जायेंगे

मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि वाल्मीकी समाज की जरूरतमंद महिलाओं को मदद के लिये महर्षि वाल्मीकी सीता आश्रम बनाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि नगर के एक वार्ड का नाम महर्षि वाल्मीकी रखा जायेगा। श्री चौहान  जबलपुर में वाल्मीकी जयंती पर सामाजिक समरसता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि वाल्मीकी समाज की बेहतरी के लिये राज्य सरकार सभी जरूरी कदम उठायेगी। उन्होंने कहा कि समाज के पात्र लोगों को आवास योजना में न केवल भूखण्ड उपलब्ध करवाये जायेंगे, बल्कि उन्हें मकान बनाने में भी मदद दी जायेगी। समाज के बच्चों को 12वीं तक शिक्षण संस्थाओं में नि:शुल्क शिक्षा दी जायेगी। समाज के छात्रा-छात्राओं को मुख्यमंत्री छात्र गृह योजना से लाभान्वित किया जायेगा। कक्षा 12वीं में 75 प्रतिशत अंक लाने पर लेपटॉप दिया जायेगा। मेडिकल, इंजीनियरिंग, आईआईटी और आईआईएम में प्रवेश मिलने पर फीस का प्रबंध भी सरकार द्वारा किया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं से समाज के लोगों को लाभान्वित किया जायेगा। श्री चौहान ने कहा कि महर्षि वाल्मीकी जैसा विद्वान दूसरा नहीं हुआ। उन्होंने रामायण जैसे महान ग्रंथ रचना की और सीता माता को अपने आश्रम में आश्रय दिया। वाल्मीकी जी ने भगवान राम के दोनों बच्चों को सभी प्रकार के युद्ध कौशल में पारंगत किया। श्री चौहान ने कहा कि इतिहास गवाह है कि वाल्मीकी समाज कभी अपने वचन से नहीं टलता और रक्त की अंतिम बूँद तक अपने वचन पर कायम रहता है। श्री चौहान ने उपस्थित जन समूह को अपने समाज, प्रदेश और देश को आगे बढ़ाने का संकल्प भी दिलवाया। मुख्यमंत्री ने महर्षि वाल्मीकी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर 11 कन्याओं का पूजन भी किया। मुख्यमंत्री ने समाज की विशिष्ट प्रतिभाओं का सम्मान एवं विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत हित लाभ भी वितरित किये। मुख्यमंत्री ने जबलपुर में महर्षि वाल्मीकी के नाम पर मंगल भवन निर्माण की घोषणा की। इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) शरद जैन, विधायक  अंचल सोनकर और  प्रतिभा सिंह तथा अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 October 2016

मोदी के खिलाफ पोस्ट

फेस बुक पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अभ्रद टिप्णणी  करने वाले कांग्रेस नेता एवं मझौली जनपद अध्यक्ष के बेटे के खिलाफ कल लोगों को गुस्सा उस वक्त फूट पड़ा जब पूर्व मंत्री अजय विश्नोई एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने मझौली पहुंचे। भाजपा कार्यकर्ताओं सहित अन्य स्थानीय लोगों ने विश्नोई को बताया कि क्षेत्र में एक युवक द्वारा प्रधानमंत्री के खिलाफ अभद्र एवं अशोभनीय टिप्पणी करने से भारी नाराजी है क्योंकि  देश के प्रधानमंत्री को सोशल मीडिया के जरिए कांग्रेस से जुड़े लोग गाली दे रहे  हैं। बताया जाता है कि पूर्व मंत्री ने आक्रोशित लोगों को भरोसा दिलाया कि इसकी शिकायत एसपी डॉ आशीष से कर मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच कराकर दोषी व्यक्ति पर कार्रवाई कराई जाएगी। जानकारी के मुताबिक मझौली नगर पंचायत अध्यक्ष आजाद साहू के बेटे राहुल साहू ने उरी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सोशल मीडिया में भड़काउ एवं अभद्र टिप्पणी कर दी। चंद दिनों में वही पोस्ट क्षेत्र के भाजपाईयों के मोबाइल पर पहुंची तो सब आक्रोशित हो गए। इसी बीच कल मझौली-पाटन क्षेत्र के पूर्व विधायक एवं पूर्व केबिनेट मंत्री अजय विश्नोई मझौली पहुंचे तो भाजपा कार्यकर्ताओं सहित स्थानीय लोगों ने राहुल साहू द्वारा मोबाइल पर की जा रही पोस्ट दिखाते हुए कार्रवाई कराने की बात कही। साइबर सेल से कराएंगे जांच भाजपा मंडल अध्यक्ष महेंद्र सिंह ने फेसबुक पोस्ट करने पर थाने में राहुल साहू के खिलाफ प्रकरण पंजीबद्ध कराने की बात कही, जिस पर अजय विश्नोई ने उन्हें भरोसा दिलाया कि साइबर सेल से पूरे मामले की जांच कराने के लिए पुलिस अधीक्षक से बात की जाएगी। पुलिस इस मामले में उचित कार्रवाई करेगी। ये लिखा गया फेसबुक पर संतोष मांझी नामक युवक ने अपने फेसबुक एकाउंट पर उरी हमले के बाद प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए बयान की इलेक्ट्रानिक मीडिया की फोटो पोस्ट करते हुए लिखा कि ‘पाकिस्तान से लड़ाई लड़ रहे हैं कि वहां भी चुनाव लड़ना है’ इसी पोस्ट पर राहुल साहू ने मोदी लिखते हुए अश्लील कामेंट्स लिखकर पोस्ट कर दिया जिससे आक्रोश पनप रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 October 2016

 जबलपुर अतिक्रमण

      जबलपुर में मंगलवार को रेतनाका से दो धार्मिक स्थल हटाने के बाद आज फिर जेएमसी के अतिक्रमण विरोधी अमले ने ग्वारीघाट की ओर कूच किया। जहां रेतनाका से ग्वारीघाट क्रासिंग तक प्रस्तावित कार्रवाई को अंजाम दिया जा रहा है। इससे पूर्व मंगलवार को निगम टूटने वाले दो मकानों को खाली करा उन परिवारों को रामपुर शिफ्ट करा चुका था।  अतिक्रमण विरोधी दल प्रभारी केके दुबे एवं सहायक  दल प्रभारी नरेंद्र कुशवाहा ने बताया कि ग्वारीघाट मार्ग पर कल लगभग 90 प्रतिशत कार्रवाई को अंजाम दिया जा चुका है। शेष मकानों के चिन्हित कब्जों को आज हटाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि क्रासिंग से रेतनाका तक करीब किसी निर्माण का 7 फीट तो किसी का 10 फीट हिस्सा तोड़ा जाना है। इस काम को आज पूरा कर लिया जाएागा। इसके अलावा यातायात थाना के सामने स्थित एक दुकान संचालक द्वारा कंजरवेंसी पर गेट लगा लिया था। जिसे सुबह-सुबह हटा दिया गया। जानकारी के मुताबिक एमएलबी स्कूल के पास स्थित नाले में पिछले कई दिनों एक ठेकेदार द्वारा डंपर द्वारा मिट्टी डाली जा रही थी। जिसे कई बार मिट्टी न डालने की हिदायत दी गई, किंतु इसके बावजूद भी वह मिट्टी डालने से बाज नहीं आया तो जेएमसी ने आज सुबह मिट्टी गिरा रहे डंपर को जब्त कर लिया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 May 2016

जबलपुर में अमर शहीद रानी अवंती बाई की प्रतिमा का अनावरण

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जबलपुर के धनवंतरी नगर चौराहे पर अमर शहीद वीरांगना रानी अवंती बाई लोधी की प्रतिमा का अनावरण किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हजारों क्रांतिकारियों ने अपने प्राणों की आहुति दी तब जाकर स्वतंत्रता मिली। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के लिए शहीद प्रदेश के वीर सपूतों की स्मृति में भोपाल में एक भव्य शहीद स्मृति स्थल का निर्माण किया जाएगा, जहाँ उनके तैलचित्र एवं स्मृतियाँ संजोयी जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पाठय-पुस्तकों में भी रानी अवंती बाई सहित प्रदेश के शहीदों के नाम पर एक पाठ जोड़ा जायेगा।मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हजारों क्रांतिकारियों ने जब अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया, तब कहीं हमें स्वतंत्रता हासिल हुई। उन्होंने तात्या टोपे, लाला हरदयाल, कुंवर सिंह, अशफाक उल्ला खाँ, राजगुरु, भगत सिंह, सुखदेव, चंद्रशेखर आजाद, राजा शंकर शाह, रघुनाथ शाह, भीमा नायक, टंट्या भील जैसे अमर शहीदों को याद किया । श्री चौहान ने वीरांगना की जयंती पर उन्हें श्रद्धा-सुमन अर्पित कर नागरिकों को रानी अवंती बाई के बताये रास्ते पर चलने का संकल्प दिलवाया। उन्होंने लोधी समाज की पत्रिका का विमोचन भी किया।मुख्यमंत्री ने त्रिपुरी वार्ड में 66 लाख से बने स्कूल भवन का लोकार्पण भी किया।समारोह को सासंद राकेश सिंह, सासंद प्रहलाद पटेल एवं महापौर प्रभात साहू ने भी संबोधित किया। लोधी समाज ने मुख्यमंत्री श्री चौहान का अभिनंदन किया । समाज ने प्रतिमा स्थापना में विशेष सहयोग के लिये महापौर प्रभात साहू, पूर्व महापौर श्रीमती सुशीला सिंह एवं श्री सदानंद गोडबोले का भी सम्मान किया।कार्यक्रम में विधायक अशोक रोहाणी, तरूण भानोत, जालम सिंह पटेल, प्रताप सिंह, पूर्व मंत्री राजबहादुर सिंह, पूर्व मंत्री हरेन्द्रजीत सिंह बब्बू, पूर्व सांसद शिवराज सिंह लोधी, पूर्व विधायक दशरथ सिंह एवं अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

शिवराज ने की भारतीय और अमेरिकी निवेशकों से अनौपचारिक चर्चा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अमेरिका में भारतीय काउंसिल जनरल ध्यानेश्वर एम. मुले तथा भारतीयों और अमेरिकी निवेशकों के साथ औपचारिक मुलाकात की और मध्यप्रदेश से संबंध रखने वाले अप्रवासी भारतीयों के योगदान की सराहना करते हुए कहा कि प्रदेश के विकास के लिये परामर्श, विशेषज्ञता, निवेश और दोस्ती बहुत महत्वपूर्ण तत्व है।श्री चौहान ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू किये 'गये मेक इन इण्डिया' अभियान की चर्चा करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में पिछले एक दशक से इसी मूल भावना के अनुसार पहल की गई है। लोकोन्मुखी प्रधानमंत्री जन धन योजना में मध्यप्रदेश ने अग्रणी भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश तेजी से हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है। कई क्षेत्रों मे विकास के नये कीर्तिमान रचे गये हैं। प्रदेश में निवेश लाने के लिये उठाये गये कदमों को रेखांकित करते हुए श्री चौहान ने कहा कि वे प्रति सोमवार निवेशकों से सीधी चर्चा करते हैं। सिंगल विंडो की जगह अब सिंगल डोर व्यवस्था लागू की गई है। इससे निवेशकों को बगैर किसी बाधा के सहूलियतें मिलती हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विकास से हमने सिद्ध किया है कि कुछ भी असंभव नहीं है।मुख्यमंत्री के संबोधन के बाद सभी ने खड़े होकर देर तक ताली बजाते हुए उनके प्रति सम्मान प्रकट किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

केन्द्र और राज्य मिलकर करें विकास

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीइंदौर में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विकास के लिए केंद्र और राज्य सरकारों को मिलकर काम करना पडेगा । समिट में पहुँचने से पहले मोदी ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को भी सम्बोधित किया भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वह मध्यप्रदेश के सेवक की तरह कार्य करने के लिए तैयार हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश के विकास के लिए जो भी योजनाएं बनाते हैं उन्हें पूरा करने के लिए वह भरपूर सहयोग देगें। उन्होंने कहा कि मैं इस इन्वेर्स्टस समिट में पूरे दो दिन शामिल होना चाहता था लेकिन समय अभाव की वजह से यह संभव नहीं हो पाया। अपने दस मिनट के संबोधन में प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि यह ग्लोबल समिट सिर्फ मध्यप्रदेश के लिए ही नहीं बल्कि पूरे देश के लिए बेहद अहम हैं क्योंकि यहां जो भी निवेश होगा उससे प्रदेश ही नहीं देश का भी बड़ा फायदा होगा। अपना संबोधन समाप्त कर वह समिट स्थल पहुंचे जहां उन्होंने शंखनाद कर दीप प्रज्वलित किया और समिट का औपचारिक उद्घाटन किया। इसके बाद बॉलिवुड गायक शान ने मध्यप्रदेश गान प्रस्तुत किया। इन्वेस्टर्स समिट में भाग लेने आए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने समिट को संबोधित करते हुए कहा कि यह समिट एक ऎसा कार्य है जिसमें मुझे पूरे दो दिन शामिल होना चाहिए था लेकिन में ऎसा नहीं कर पाया लेकिन अगली बार जरूर कोशिश करूंगा। उन्होंने कहा कि देश की ताकत राज्यों में है और जो इसे समझता है वही देश का आगे बढ़ा सकता है। देश को आगे बढ़ाने के लिए राज्यों का आगे बढ़ना बेहद जरूरी है। केन्द्र और राज्य स्तंभ की तरह है सिर्फ एक स्तंभ मजबूत हो तो काम नहीं होगा इसके लिए सभी स्तंभों को मजबूत करने की जरूरत है। केन्द्र का यह दायित्व है कि सभी को लेकर आगे बढ़े।प्रधानमंत्री ने देश के विकास के लिए टीम इंडिया का कंसेप्ट देते हुए कहा कि टीम इंडिया से मेरा मतलब है प्रधानमंत्री और सभी राज्यों के मुख्यमंत्री मिलकर देश के विकास में योगदान दे तो फिर हम देखेगें की देश उन्नती की नई ऊंचाईयों का छूता है। मुख्यमंत्री रहते हुए मेरा अनुभव रहा है कि केन्द्र और राज्य में कभी 36 का आंकड़ा नहीं होना चाहिए। यह आंकड़ा बेहद खराब होता है। यदि यह आंकड़ा नहीं है तो प्रदेश विकास करता है लेकिन यदि दोनों के बीच यह आंकड़ा है तो इसका नुकसान कितना होता है यह शिवराजसिंह जी भी बड़ी अच्छी तरह जानते हैं क्यों कि उन्होंने भी दस साल इसे देखा है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह के नेतृत्व की तारीफ करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यदि, निती, नियत, ईरादा, लगन, साहस और लक्ष्य हो तो कोईं भी बीमार राज्य विकासशील बन सकता है और इसका सबसे बड़ा उदाहरण मुख्यमंत्री शिवराजसिंह और उनकी टीम ने दिया है जिसके लिए वह सभी अभिनंदन के पात्र हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री ने समिट को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री की तारीफों के पुल बांधाते हुए कहा कि उन्हें केन्द्र में शपथ लिए मात्र चार महीनें हुए हैं लेकिन इन चार महीनों में उन्होंने स्वयं का ही नहीं बल्कि देश का मान बढ़ाया है। उनकी भूटान, नेपाल और जापान की यात्रा से देश का लाभ हुआ। मैं आज भावविभोर हूं की वह हमारे बीच मौजूद हैं। उन्होंने ब्रिक्स देशें के समिट में भाग लिया और इसके बाद ब्रिक्स बैंक की घोषणा हुई जिसका अध्यक्ष भारत बना। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने पिछले 7 सालों में प्रदेश की विकास दर लगातार दोहरे अंकों में होनें की बात कही। मुख्यमंत्री ने उन सभी उद्योगपतियों का भी धन्यवाद किया जिन्होंने प्रदेश में निवेश किया और कहा कि उन्हें यहां रूकना नहीं है बल्कि और आगे जाना है। मध्यप्रदेश वह राज्य है जो कि एक बार किया का हाथ पकड़ता है तो फिर छोड़ता नहीं है।समिट के औपचारिक उद्घाटन के बाद प्रदेश की उद्योग मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने प्रधानमंत्री का स्वागत करते हुए स्वागत भाषण दिया जिसमें उन्होंने भाजपा सरकार की केंन्द्र और प्रदेश में उपलब्घियों का उल्लेख करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश 2005 से पहले एक बीमार राज्य था लेकिन सरकार बदलने के बाद प्रदेश ने लगातार विक ास किया और आज प्रदेश की कृषि विकास दर और जीडीपी दुगुनी हो गई है। उद्योग मंत्री ने यह भी कहा कि जिस तरह सत्ता परिवर्तन के बाद गुजरात ने मोदी जी के नेतृत्व में यह साबित किया की विकास केवल सहीं नेतृत्व से हो सकता है वैसे ही मध्यप्रदेश ने भी यह साबित किया है। अपने भाषण में उद्योग मंत्री ने आगे कहा कि देश में सरकार बदलने के मात्र तीन महिनों में देश में जो परिवर्तन आया है वह सबके सामने हैंप्रधानमंत्री के अलावा समिट में भाग लेने के लिए देश के कई जाने मानें उद्योगपति भी सुबह से ही इंदौर पहुंचना शुरू हो गए थे। इनमें केन्द्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, हीरो मोटोकॉर्प के पवन मुजाल, मेदांत ग्रुप के डॉ. नरेश त्रेहान, रिलायंस गुप के मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी, फ्यूचर ग्रुप के किशोर बियानी आदी शामिल हैं। इनके अलावा कुल 28 देशों के एबेंसेडर और 9 देशों के हाई कमिश्नर भी मौजूद हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

मध्यप्रदेश के गाँवों में भी  मास्टर प्लान

अमल में लाने के लिये शासन द्वारा विभागों को निर्देश दिनेश मालवीयविकेन्द्रीकृत नियोजन की अवधारणा को मूर्तरूप देते हुए मध्यप्रदेश में हर गाँव का मास्टर प्लान तैयार कर लिया गया है। ग्राम सभाओं द्वारा अनुमोदित गतिविधियों को मास्टर प्लान में शामिल किया गया है, जिनका जिला-स्तर पर विभागों द्वारा क्रियान्वयन किया जाना है। इस कार्य को तत्परता से करने के लिये शासन ने सभी विभागों को निर्देश जारी किये हैं।गाँव के लोगों से प्राप्त माँगों के आधार पर विभागों के जिला कार्यालयों में गतिविधियों को 5 श्रेणी में विभाजित किया गया है। पहली श्रेणी में उन गतिविधियों को लिया गया है, जिन पर अभी निर्णय लिया जाना है। दूसरी श्रेणी में अनुमोदित, तीसरी श्रेणी में भविष्य में शुरू की जाने वाली, चौथी श्रेणी में अनुपादेय (not feasible) तथा पाँचवीं श्रेणी में स्वीकृत हो चुकी गतिविधियों को रखा गया है। सभी विभाग से यह अपेक्षा की गई है कि वे विलेज मास्टर प्लान का क्रियान्वयन करने के लिये अपने जिला कार्यालयों को निर्देश दें।अनुमोदित गतिविधियाँ वे हैं जो विभाग द्वारा जिला-स्तर पर स्वीकृत हैं। ऐसी गतिविधियों का क्रियान्वयन जिला-स्तर पर चालू वित्तीय वर्ष में ही पूर्ण करवाने के निर्देश दिये गये हैं। पूर्व से स्वीकृत गतिविधियों के क्रियान्वयन की स्थिति की समीक्षा और स्टेटस अपडेट करने के निर्देश जारी किये गये हैं। जिन गतिविधियों पर अभी तक जिला-स्तर के कार्यालयों द्वारा कोई रिस्पांस नहीं दिया गया है, उसके कारणों की समीक्षा करने को कहा गया है। अनुपादेय गतिविधियों के कारणों की समीक्षा करने और राज्य-स्तर से उसके क्रियान्वयन की संभावनाओं पर विचार करने को कहा गया है। जिन गतिविधियों को जिला-स्तर पर आगामी वर्षों में स्वीकृत करने का कार्य किया जायेगा, उन्हें इस श्रेणी में रखे जाने के कारणों की समीक्षा करने के निर्देश दिये गये हैं, ताकि इनका बारहवीं पंचवर्षीय योजना की अवधि में क्रियान्वयन किया जा सके।विलेज मास्टर प्लान में 'अन्य' श्रेणी भी रखी गई है, जिसमें संचालित योजनाओं तथा कार्यक्रमों के अतिरिक्त गाँव के लोगों की माँग पर की जाने वाली गतिविधियों को शामिल किया गया है। राज्य-स्तर पर इनके क्रियान्वयन की संभावनाओं पर विचार करने को कहा गया है। विभागों को निर्देशित किया गया है कि वे अपने अधीनस्थ जिलों को विलेज मास्टर प्लान की सभी गतिविधियों का तत्परता से क्रियान्वयन करने के लिये कहे। साथ ही स्वीकृत गतिविधियों के क्रियान्वयन के संबंध में विभाग द्वारा विकसित साफ्टवेयर में जानकारी हर माह अपडेट की जाये।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

जबलपुर में विकसित होंगी नौकायन और साइकिलिंग की राष्ट्र स्तरीय सुविधाएँ

जबलपुर में राष्ट्र स्तरीय नौकायन और साइकिलिंग की सुविधाएँ विकसित की जायेंगी। इस कार्य में सेना भी सहयोग करेगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के समक्ष आज ब्रिगेडियर अजीत सिंह ने नौकायन और साइकिलिंग सुविधाओं के विस्तार के बारे में प्रस्तुतीकरण किया।मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जबलपुर में साइकिलिंग अकादमी स्थापित करने का प्रस्ताव तैयार किया जाय। उन्होंने नौकायन के लिये आवश्यक अधोसंरचना विकसित करने के लिये राज्य सरकार द्वारा अपेक्षित सुविधाएँ उपलब्ध करवाने की सहमति दी। बैठक में बताया गया कि जबलपुर में विश्व-स्तरीय नौकायन और साइकिलिंग की आदर्श संभावनाएँ हैं। बरगी डेम और गौर नदी में नौकायन के लिये बेहतर स्थान हैं। इसी तरह जबलपुर में रानीताल में पूर्व में 5 करोड़ की लागत से साइकिलिंग का वेलोड्रम बनाया गया था। इसे सुधार कर पुन: तैयार किया जा सकता है। जबलपुर में उपलब्ध जल-संरचनाओं में विश्व-स्तरीय वॉटर स्पोर्टस टूरिज्म विकसित किया जा सकता है। यहाँ ओलम्पिक के लिये खिलाड़ी तैयार किये जा सकते हैं। प्रस्तुतीकरण के दौरान पूर्व मंत्री अजय विश्नोई, कर्नल सत्यजीत, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव इकबाल सिंह बैंस, प्रमुख सचिव खेल डॉ. एम. मोहन राव, मुख्यमंत्री के ओएसडी सुधीर सक्सेना और खेल संचालक उपेन्द्र जैन भी उपस्थित थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

Video

Page Views

  • Last day : 2842
  • Last 7 days : 18353
  • Last 30 days : 71082
Advertisement
Advertisement
Advertisement
All Rights Reserved ©2017 MadhyaBharat News.