Since: 23-09-2009

Latest News :
दिल्ली में हेलिकॉप्टर से पानी के छिड़काव की तैयारी.   अचार, मुरब्बा बनाने की तकनीक दुनिया को करती है उत्साहितः मोदी.   गुजरात में चुनाव दिसम्बर में होने के संकेत.   मीडिया की गति और नियति.   PM मोदी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की मौजूदगी में रावण दहन .   राज ठाकरे की चुनौती, पहले सुधारो मुुंबई लोकल फिर बुलेट ट्रेन की बात.   कबीर की शिक्षा समाज के लिये संजीवनी : कबीर महोत्सव में राष्ट्रपति श्री कोविंद.   चित्रकूट में एक हजार से अधिक लायसेंसी हथियार जमा.   भावांतर भुगतान योजना में एक लाख 12 हजार से अधिक किसानों द्वारा 32 लाख क्विंटल उपज का विक्रय .   उद्योग संवर्द्धन नीति-2014 में संशोधन की मंजूरी.   मुख्यमंत्री शिवराज के निवास पर दशहरा पूजा.   मानव जीवन के लिए नदी बचाना जरूरी : चौहान.   मूणत CD कांड - फॉरेंसिंक रिपोर्ट आते ही शुरू होगी CBI जांच.   मूणत की CD का सच सीबीआई को सौंपने दिल्ली पहुंची एसआईटी.   पुलिस लाइन रायगढ़ के प्रशासनिक भवन में आग.   बीमार पत्नी से झगड़ा पति, हत्या कर फांसी पर झूला.   बस्तर दशहरा के लिए माई जी को न्यौता.   बस्तर को अलग राज्य बनाने की मांग.  

भिंड News


 बच्चे से गोली चली और बहन की मौत

भिंड शहर के धरमपुरी इलाके में एक बच्चे ने बंदूक से खेलते हुए अपनी बड़ी बहन को गोली मार दी। जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक कलेक्टर ऑफिस के बाबू दिनेश ओझा की लाइसेंसी रिवाल्वर से उनका बेटा अनुज (9) खेल रहा था इसी दौरान उसके ट्रिगर दबा दिया। गोली चलने की आवाज सुनकर परिवार के लोग दौड़कर कमरे में पहुंचे तो वहां निधी (15) का खून से लथपथ शव पड़ा था। दिनेश ओझा ने कुछ दिन पहले ही रिवाल्वर लेकर आए थे और बारिश से पहले इसे साफ करके रखने वाले थे। वो बिस्तर पर उसे छोड़कर किसी काम से दूसरे कमरे में गई, इसी दौरान बेटे ने बंदूक उठा ली और गोली चला दी। गोली सीधे लड़की के सिर में लगी और मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 June 2017

हिंसा के दौरान मतदान

अटेर और बांधवगढ़ विधानसभा उपचुनाव के लिए रविवार को फायरिंग और हिंसा के बीच मतदान हुआ।  बांधवगढ़ में जहां  67.16 फीसदी मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया तो वहीं अटेर में 61 प्रतिशत मतदान हुआ। अटेर में दिनभर काफी तनावपूर्ण माहौल रहा। दो जगह हवाई फायरिंग हुई और कई मतदान केंद्रों के बाहर हिंसा की घटनाएं सामने आईं। अटेर में कांग्रेस ने 41 मतदान केंद्रों में पुनर्मतदान की मांग की जबकि भाजपा ने भी स्पेशल ऑब्जर्वर के खिलाफ कांग्रेस के पक्ष में एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाते हुए 40 मतदान केंद्रों पर पुनर्मतदान की मांग की है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान ने भी दिल्ली में इस संबंध में चुनाव आयोग को एक ज्ञापन सौंपा। अटेर उपचुनाव में भाजपा के अरविंद भदौरिया का मुकाबला कांग्रेस के हेमंत कटारे से है वहीं बांधवगढ़ में भाजपा के शिवनारायण सिंह का मुकाबला कांग्रेस की सावित्री सिंह से है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह ने बताया कि अटेर में चुनाव शांतिपूर्ण तो नहीं रहा लेकिन बूथ कैप्चरिंग की घटना नहीं हुई। दो जगह सांकरी और गोरकलान में फायरिंग की सूचनाएं मिली हैं। इसको लेकर कलेक्टर से रिपोर्ट मांगी गई है। सांकरी में कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट होने की बात सामने आई है। कांग्रेस के उम्मीदवार हेमंत कटारे को 12-15 सुरक्षाकर्मी मुहैया कराए गए थे। मतदान में अशांति की संभावना को देखते हुए शनिवार देर रात दतिया और मुरैना से सुरक्षा बल की दो कंपनियां भिजवाई गई थीं। मतदान के दौरान पाली मतदान केंद्र में मुन्नीलाल शर्मा ने मत किसी को देने और किसी और को मिलने की शिकायत की लेकिन उन्होंने लिखित में इस पर आपत्ति दर्ज नहीं कराई। वहीं तकनीकी गड़बड़ी के चलते अटेर में 5 और बांधवगढ़ में 6 ईवीएम और वीवीपैट को बदला गया है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि जितनी भी शिकायतें मिली थी, उन सभी पर तुरंत कार्रवाई की गई है। हम कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक के भरोसे नहीं बैठे थे। चार माध्यमों से सूचनाएं प्राप्त कर जरूरी कार्रवाई के लिए पुलिस बल और मजिस्ट्रेट पहुंचाए गए। कांग्रेस ने जो शिकायतें की हैं, उन सभी को जांच में लिया गया है। कलेक्टर से रिपोर्ट भी मांगी गई है। उधर, भाजपा ने भी अटेर में कांग्रेस द्वारा फर्जी मतदान कराए जाने की शिकायत की। पार्टी ने आरोप लगाया कि कुछरी में आपराधिक तत्व मतदाताओं को मतदान करने से रोक रहे हैं। भाजपा ने चुनाव आयोग के विशेष पर्यवेक्षक भंवरलाल पर आरोप लगाया कि वे कांग्रेस की शिकायत पर अधिकारियों को इध्‍र से उधर हटा रहे हैं। यदि भंवरलाल को नहीं रोका गया तो शांति सुरक्षा कभी भी भंग हो सकती है। पार्टी ने भंवरलाल को तत्काल अटेर से हटाने की मांग की। इस पर पूछे सवाल को पहले तो मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह टाल गई लेकिन देर शाम कहा कि आयोग निष्पक्ष एजेंसी है और वे पूरी शिद्दत से अपना काम करता है।      

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 April 2017

मशीन में  कमल

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने प्रदेश के निर्वाचन आयोग पर गंभीर आरोप लगाए हैं। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता केके मिश्रा ने निर्वाचन आयोग पर भाजपा का एजेंट होने का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं उन्होंने मध्य प्रदेश कॉडर की आईएएस अफसर और प्रदेश की मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह को तत्काल हटाने की मांग की है। कांग्रेस ने एक बार फिर ईवीएम की जगह पर मतपत्रों से अटेर और बांधवगढ़ का चुनाव करवाने की मांग भी की है। मिश्रा ने आज प्रदेश कार्यालय में कहा कि सलीना सिंह अटेर में ईवीएम को चैक करने गई थी। उन्होंनें चार नंबर की बटन दबाई, इसमें वोट भाजपा को जाना बताया गया। कई बार ऐसा हुआ। इसके बाद सलीना सिंह ने वहां पत्रकारों को धमकाया। मिश्रा ने कहा कि उन्हें हटाकर गैर भाजपा, कांग्रेस शासित प्रदेश के किसी अफसर को जिम्मेदारी सौंपी जाए। उन्होंने कल जिस तरह से पत्रकारों को धमकाया है वह उनकी गोपनीय चरित्रावली में दर्ज करते हुए उनके खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाए। कांग्रेस ने प्रमाणित शिकायतें निर्वाचन आयोग को की हैं। गौरतलब है कि यूपी चुनाव के बाद ईवीएम की गड़बड़ी की शिकायतों के बाद चुनाव आयोग ने कहा था कि ऐसा संभव नहीं है। अब चुनाव आयोग के इसी दावे पर सवाल उठने लगे हैं। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने भी आज भारत निर्वाचन आयोग को पत्र लिखा है। उन्होंने मांग की है कि अटेर और बांधवगढ़ में ईवीएम की जगह पर बैलेट पेपर से वोट कराया जाए। वहीं उन्होंने भी सलीना सिंह को तत्काल हटाने की मांग भारत निर्वाचन आयोग से की है। मामले में कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी सक्रिय हो गए हैं। एआईसीसी ने दिल्ली में भारत निर्वाचन आयोग से इस संबंध में शिकायत करने के लिए समय मांगा है। इस शिकायत के लिए प्रदेश कांग्रेस से सभी जरुरी दस्तावेज दिल्ली बुला लिए गए हैं। दस्तावेजों के साथ ही सलीना सिंह का कल सोशल मीडिया पर जारी हुआ एक वीडियो भी एआईसीसी को भेजा गया है। सलीना ने दी  सफाई मध्यप्रदेश की मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह का कहना है कि अटेर-बांधवगढ़ चुनावों में पहली बार वीवीपेट मशीन का उपयोग हो रहा है। मशीन से मतदाता जान सकेंगे कि उन्होंने जिस उम्मीदवार को वोट दिया है वह उसके पक्ष में गया है या नहीं। भिंड में इस मशीन के डेमो के दौरान बटन दबाए जाने पर एक बार कमल और दूसरी बार पंजे चिन्ह की पर्ची निकल कर आई थी। कुछ लोग इसका दुष्प्रचार कर रहे है। यह मशीन पूरी तरह सुरक्षित है और स्वच्छ एवं निष्पक्ष चुनाव को प्रमाणित करती है। प्रदेश टुडे से चर्चा में सीईओ ने कहा कि भिंड में कलेक्टर और चुनाव आर्ब्जवर, मीडिया की मौजूदगी में मशीन के प्रदर्शन के दौरान दो बार बटन दबाने पर अलग-अलग चुनाव चिन्हों की पर्चियां निकली। मशीन से दो बार मतदाता पर्चियां निकालकर बताई गई।  एक पत्रकार का यह कहना था कि पहली बार में कमल क्यौं निकला। हमने उन्हें बताया कि रेंडम आधार पर पहली बार में कोई भी चुनाव चिन्ह निकल सकता है। इस मशीन के बारे में गलत प्रचार करने पर जेल भेजने का प्रावधान है। मैने यही मीडिया को बताया था। पूरे मामले की रिपोर्ट भारत निर्वाचन आयोग को भेज दी है। मध्यप्रदेश का ईवीएम मशीन वाला वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है। इसके बाद राष्ट्रीय  स्तर पर भी ईवीएम की निष्पक्षता पर सवाल उठाए जा रहे हैं। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया कि ‘बटन कोई भी दबाओ, वोट कमल को पड़ेगा...पर्ची में कुछ भी आए, प्रेस में नहीं आना चाहिए... नहीं तो पत्रकार को थाने में बिठा देंगे। लोकतंत्र खत्म।’ वहीं पत्रकार एक्टिविस्ट आनंद राय ने ट्वीट किया कि ‘मुख्य निर्वाचन अधिकारी सलीना सिंह द्वारा ईवीएम और वीवीपीएटी डिमॉस्ट्रेशन ने भाजपा की पोल खोल दी’। वहीं पत्रकार आशुतोष मिश्रा ने ट्वीट किया ‘ईवीएम में फ्रॉड का पहला और बड़ा सबूत खुद एमपी की मुख्य चुनाव अधिकारी ने दे दिया’।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 April 2017

चुनाव खर्च

  मध्यप्रदेश के भिण्ड जिले के अटेर और उमरिया जिले के बाँधवगढ़ (अजजा) विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के उप चुनाव के दौरान उम्मीदवारों द्वारा किये जाने वाले खर्च पर निगरानी के लिये नोडल अधिकारी तथा टीमें गठित होंगी। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर भिण्ड एवं उमरिया जिले के कलेक्टर को निर्वाचन व्यय लेखे की निगरानी के लिये जिला स्तर पर एक नोडल अधिकारी नियुक्त करने को कहा गया है। निर्वाचन व्यय पर नजर रखने के लिये राजनैतिक दलों के साथ बैठक कर विभिन्न आइटम की दरों का निर्धारण करने के लिये कहा गया है। दोनों कलेक्टर को जिले एवं निर्वाचन क्षेत्र के लिये सहायक व्यय पर्यवेक्षक, फ्लाइंग स्क्वाड, स्थैतिक निगरानी, वीडियो निगरानी और अवलोकन एवं लेखा टीम, मीडिया प्रमाणक एवं अनुवीक्षण समिति (MCMC), कंट्रोल रूम और 24X7 कॉल सेंटर का गठन करने के निर्देश भी दिये गये हैं। निष्पक्ष चुनाव के लिए आबकारी विभाग के उड़नदस्तों को अवैध शराब रोकने के लिये तैनात किये जाने को कहा गया है। पुलिस, वाणिज्यिक कर, आबकारी विभाग, एयरपोर्ट अथारिटी, राज्य लीड बैंक के मैनेजर के प्रतिनिधि को राज्य तथा जिला स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त करने को कहा गया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 March 2017

upchunav

  मतदान 9 एवं मतगणना 13 अप्रैल को    भारत निर्वाचन आयोग ने आज मध्यप्रदेश के भिण्ड जिले के 09-अटेर और उमरिया जिले के 89- बांधवगढ़ (अनुसूचित जनजाति) विधानसभा उप चुनाव की घोषणा की। अटेर और बांधवगढ़ विधानसभा उप चुनाव के लिये 9 अप्रैल को मतदान और 13 अप्रैल को मतगणना होगी। उप चुनाव की घोषणा के साथ ही दोनों उप चुनाव वाले निर्वाचन क्षेत्र में आदर्श आचरण संहिता लागू हो गयी है। घोषित चुनाव कार्यक्रम के अनुसार 14 मार्च को उप चुनाव की अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन-पत्र जमा करवाने का सिलसिला शुरू हो जायेगा। नामांकन-पत्र जमा करवाने की अंतिम तिथि 21 मार्च निर्धारित है। नामांकन-पत्रों की जाँच का कार्य 22 मार्च को होगा तथा 24 मार्च तक नामांकन वापस लिये जा सकेंगे। निर्वाचन संबंधी सभी प्रक्रिया 15 अप्रैल तक पूरी कर ली जायेगी। अटेर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र तत्कालीन विधायक श्री सत्यदेव कटारे के निधन के कारण और बांधवगढ़ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र तत्कालीन विधायक श्री ज्ञान सिंह के शहडोल संसदीय क्षेत्र से सांसद निर्वाचित होने के कारण रिक्त घोषित किया गया था। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्रीमती सलीना सिंह ने उप चुनाव वाले दोनों जिले के कलेक्टर एवं रिटर्निंग आफीसर को आदर्श आचरण संहिता का पालन करवाने के निर्देश दिये हैं। होली त्यौहार को देखते हुए दोनों निर्वाचन क्षेत्र में मिलन समारोह एवं अन्य कार्यक्रम में राजनैतिक व्यक्तियों की भागीदारी पर विशेष नजर रखने को कहा गया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 March 2017

bhind

  मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश की धरती पर जन्म लेने वाले हर गरीब व्यक्ति को जमीन उपलब्ध करवाने के लिये कानून बनेगा। उन्होंने कहा कि आवास बनाने के लिये भी सरकार मदद करेगी। श्री चौहान  भिण्ड जिले के फूप नगर में अंत्योदय मेला और सेतु शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री आवास योजना में आवास निर्माण के लिये एक लाख 20 हजार रुपये हितग्राही को दिये जायेंगे। उन्होंने कहा कि जिन ग्राम पंचायत क्षेत्र में परिवार के पास शौचालय नहीं है, उन्हें 12 हजार की राशि उपलब्ध करवायी जा रही है। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों की शिक्षा के लिये गणवेश, साइकल और 85 प्रतिशत से अधिक अंक लाने पर लेपटॉप दिये जा रहे हैं। महाविद्यालयीन छात्रों को स्मार्ट-फोन दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि मेडिकल, इंजीनियरिंग, आईआईटी और आईआईएम कॉलेज में गरीब परिवार का बच्चा भी पढ़ सके, इसकी व्यवस्था सरकार करेगी। नगर उदय अभियान का शुभारंभ मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज से शुरू हो रहे नगर उदय अभियान की  शुरूआत की। उन्होंने कहा कि यह अभियान नागरिकों को दी जाने वाली मूलभूत सुविधाओं को सुदृढ़ बनायेगा और इसका विस्तार होगा। श्री चौहान ने मेले में हर घर में शौचालय बनाने, बेटा-बेटियों में भेदभाव नहीं करने, हर बेटी को स्कूल भेजने, गाँव को नशामुक्त बनाने और एक पौधा जरूर लगाने का संकल्प उपस्थित जन-समुदाय को दिलवाया। उन्होंने मेले में आये दिव्यांगों से उनके केम्प में जाकर मुलाकात की और मिल रही सुविधाओं की जानकारी दी। केन्द्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि आम लोगों की भलाई के लिये केन्द्र और राज्य सरकार संकल्पित है। उन्होंने कहा कि चम्बल नदी पर पुल बनने से इस क्षेत्र में आवागमन सुविधाजनक होगा। इसके लिये उन्होंने मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि हर परिवार के यहाँ शौचालय बनाने के लिये हितग्राही के खाते में सीधे राशि पहुँचायी जा रही है। कार्यक्रम को सांसद डॉ. भागीरथ प्रसाद ने भी संबोधित किया। घोषणाएँ मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मेले में जिले के विकास के लिये कई महत्वपूर्ण घोषणाएँ भी कीं। उन्होंने 24 नई ग्रामीण सड़कों के निर्माण का शिलान्यास किया। नगर परिषद फूप में 8 करोड़ की लागत से नल-जल योजना। उन्होंने 30 बिस्तरीय अस्पताल की सुविधा मुहैया करवाने का भी आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने अंत्योदय मेले में विधवा, नि:शक्त, वृद्धावस्था, कन्या अभिभावक पेंशन योजना, दिव्यांग उपकरण, साइकिल वितरण, निरामय बीमा योजना, राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना, श्रम कल्याण योजनाएँ, मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना, मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री आवास मिशन, सामाजिक स्वच्छ भारत मिशन योजना, भू-धारक प्रमाण-पत्र, बीपीएल कार्ड, राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, लाड़ली लक्ष्मी आदि योजनाओं के 40 हजार 736 हितग्राही को 36 करोड़ 55 लाख के हित-लाभ वितरित किये।     2 Attachments                 Click here to Reply or Forward       0.52 GB (3%) of 15 GB used Manage

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 December 2016

कटारे का अंतिम संस्कार

मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष स्वर्गीय  सत्यदेव कटारे का आज पूर्ण राजकीय सम्मान के साथ उनके गृह गाँव मनेपुरा, तहसील अटेर जिला भिण्ड में अंतिम संस्कार हुआ। राज्य सरकार की ओर से जनसंपर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने स्व.श्री कटारे की पार्थिव देह पर पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। गार्ड आफ ऑनर दिया जाकर पुलिस की टुकडियों ने मातमी धुन के साथ में अंतिम सलामी दी। मुखाग्‍नि पुत्र श्री हेमंत कटारे ने दी। मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने नेता प्रतिपक्ष, पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ राजनेता  सत्यदेव कटारे के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि श्री कटारे मध्यप्रदेश विधानसभा में अपनी सक्रिय भूमिका के लिए जाने जाते थे। कुछ समय से गंभीर अस्वस्थता के बावजूद सदन में उपस्थिति होने में रूचि लेते थे। वे ओजस्वी वक्ता और जनहित के मुद्दे उठाने वाले समर्पित नेता थे। श्री कटारे सार्वजनिक जीवन में शून्य से शिखर की ओर बढ़ने के लिए सक्रिय रहे। जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष श्री कटारे के निधन से उनका मन आहत है। मंत्री डॉ. मिश्रा ने दिवंगत श्री कटारे की आत्मा की शांति और शोकाकुल कटारे परिवार एवं उनके मित्रों, शुभचिंतकों को यह दुख सहन करने की शक्ति देने की विनती ईश्वर से की है। स्व.श्री सत्यदेव कटारे के अंतिम संस्कार में नर्मदा घाटी विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  लालसिंह आर्य, विधानसभा उपाध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र कुमार सिंह, सांसद डॉ. भागीरथ प्रसाद, राज्यसभा सांसद  विवेक तन्खा, पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं सांसद  कमलनाथ, पूर्व केन्द्रीय मंत्री और सांसद  ज्योतिरादित्य सिंधिया, पूर्व केन्द्रीय मंत्री  सुरेश पचौरी, पूर्व मुख्यमंत्री  दिग्विजय सिंह, उपनेता प्रतिपक्ष  बाला बच्चन, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष  अरूण यादव, राष्ट्रीय महासचिव  मोहन प्रकाश, विधायक  नरेन्द्र सिंह कुशवाह,  मुकेश चौधरी, डॉ. गोविन्द सिंह,  रामनिवास रावत,  जीतू पटवारी, श्रीमती इमरती देवी, पूर्व मंत्री  राकेश चौधरी, जिला पंचायत अध्यक्ष  रामनारायण हिण्डोलिया,महापौर नगर निगम मुरैना  अशोक अर्गल, पूर्व सांसद डॉ. रामलखन सिंह, पूर्व विधायक  अरविन्द सिंह भदौरिया,  गजराज सिंह सिकरवार,  परशुराम सिंह भदौरिया, रामेश्वर दयाल अरेले,  सोपत जाटव, कुकुक्ट विकास निगम के अध्यक्ष  मुन्शीलाल, श्री संजीव कांकर,  रमेश दुबे,  मनोज पाल,  दर्शनसिंह,  उदयवीर सिंह सिकरवार ने पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इस दौरान कलेक्टर डॉ. इलैया राजा टी, पुलिस अधीक्षक  नवनीत भसीन सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी बड़ी संख्या में अन्य जन-प्रतिनिधि एवं नागरिक उपस्थित थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 October 2016

satydev katare nidhan

  मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और कोंग्रेस के जुझारू नेता सत्यदेव कटारे का लंबी बीमारी के बाद गुरुवार को निधन हो गया। कटारे का मुंबई के निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था।कटारे के निधन से कोंग्रेस को बड़ा नुक्सान हुआ है।  भिंड जिले की अटेर विधानसभा सीट से विधायक सत्यदेव कटारे बीमारी के लिए इलाज के लिए न्यूयॉर्क भी गए थे।  इसके बाद उनकी सेहत में कुछ सुधार आया था।  पिछले कुछ समय से उनकी तबीयत बिगड़ने के बाद मुंबई के हीरानंदनी अस्पताल में उन्हें भर्ती किया गया था ,जहाँ उनका निधन हो गया।    -सत्‍यदेव कटारे का जन्‍म 15 फरवरी 1955 हुआ था. -विधि में स्‍नातकोत्‍तर कटारे भिंड जिले के मनेपुरा (अटेर) से संबंध रखते थे। -अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत कटारे ने युवा कांग्रेस के साथ की थी। -1985 से 1990 तक वे मध्‍यप्रदेश युवा कांग्रेस के सचिव रहे। -मोतीलाल वोरा के कार्यकाल में 1989 से 1990 तक वे परिवहन और जेल के सहायक मंत्री रहे थे। -दिग्विजय सिंह शासनकाल में 1993 से 1995 तक वे मध्‍यप्रदेश के गृह राज्‍यमंत्री रहे। -1995 से 1998 के दौरान वे मध्‍यप्रदेश के खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री रहे। -2003 से 2008 तक वे भिंड के अटेर क्षेत्र के विधायक रहे. 2008 विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद वह पिछले विधानसभा चुनाव में फिर अटेर से विधायक चुने गए थे।   सत्यदेव कटारे के निधन पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ,जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा ,विधानसभा अध्यक्ष सीताशरण शर्मा ,मध्यप्रदेश कोंग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव सहित तमाम नेताओं ने शोक व्यक्त किया है।  गुना सांसद एवं एवं लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के मुख्य सचेतक जयोरिादित्य सिंधिया ने नेता प्रतिपक्ष श्री सत्यदेव कटारे के निधन पर गहरा दुख व्यक्तकरते हुए कहा कि अत्यंत दुख का विषय है कि मप्र विधानसभा में नेता विपक्ष एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता  सत्यदेव कटारे जी हमारे बीच नहीं रहे। श्री कटारे के निधन से कांग्रेस की तो अपूर्णीय क्षति है ही, लेकिन व्यक्तिगत तौर पर मैंने अपना अभिन्न सहयोगी एवं सलाहकार खो दिया है। मुझे जब भी किसी विषय पर सलाह की आवष्यकता होती थी, मुझे कटारे जी का ध्यान आता था। श्री कटारे ने दशकों तक मेरे पूज्य पिता जी के साथ नजदीकी से काम किया। सुख एवं दुख हर समय वे हमारे परिवार के साथ खड़े रहे। कटारे के निधन से केवल ग्वालियर-चंबल ने ही नहीं बल्कि मध्य प्रदेश  ने एक प्रबुद्ध वक्ता, विधिवेत्ता एवं संसदीय मामलों के जानकार तथा जननेता को खो दिया है। श्री कटारे अपने तेजस्वी व्यक्तित्व एवं कृतित्व के आधार पर मध्य प्रदेश  की राजनीति में एक नया आयाम स्थापित किए। 1977 में लोकतंत्र की प्रथम पाठषाला ग्राम पंचायत कोषण जिला भिंड से पंच के रूप में अपनी राजनीति यात्रा प्रारंभ करने वाले श्री कटारे 1985 में पहली बार विधायक चुने गए। इसके बाद 1993, 2003, 2013 में मध्य प्रदेष विधानसभा के सदस्य चुने गए। मध्य प्रदेष के गृह राज्य मंत्री के रूप में उनके कार्यकाल को लोग आज भी याद करते हैं। 2013 में जब कांग्रेस को विपक्ष में बैठना पड़ा तब मुद्दों पर गहरी पकड़ रखने वाले श्री सत्यदेव कटारे जी को कांग्रेस हाईकमान ने ये महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी। श्री कटारे ने पूरे मनोयोग से एक रचनात्मक विपक्ष की भूमिका निभाते हुए सरकार को जनहित के मुद्दों पर कठघरे में खड़ा किया। दुर्भाग्य से पिछल कुछ माह से उनका स्वास्थ्य खराब था, मैं अपने भोपाल प्रवास के दरम्यान उनने मिलने गया था, उस समय उनकी जीवटता अनुकरणीय थी, उम्मीद थी कि वह जल्दी ही स्वस्थ होकर हमारे बीच आएंगे और पूरी दबंगता से कांग्रेस पार्टी  एवं जनता की सेवा जो उन्होंने पूरे जीवन में अनवरत रूप से जारी रखा, उसको आगे बढ़ाएंगे।  आज कांग्रेस के प्रत्येक कार्यकर्ता को संकल्प लेना चाहिए कि श्री कटारे के जन संघर्ष एवं उनके अधूरे कार्यों को पूरा करने के लिए पूरे मनोयोग से जुट जाएं।  श्री सत्यदेव कटारे जी का पार्थिव शरीर आज  21अक्टूबर को  ग्वालियर विमानतल पहुंच । वहां से श्री कटारे की पार्थिव देह को  भिंड निवास एवम अंतिम संस्कार के लिए पैतृक ग्राम मनेपुरा ले जाया जाएगा। जहाँ  22 अक्टूबर शनिवार को सुबह 10 बजे उनका अंतिम संस्कार होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 October 2016

mp industrial area

    मध्यप्रदेश में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिये इस वर्ष 20 नये औद्योगिक क्षेत्र के अधोसंरचना के विकास कार्य करवाये जा रहे हैं। यह कार्य 7 औद्योगिक केन्द्र विकास निगम (एकेव्हीएन) के अन्तर्गत किया जा रहा है। इन औद्योगिक क्षेत्रों में पानी, बिजली, एप्रोच रोड समेत बुनियादी सुविधाओं के विकास पर 600 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे।   चयनित 20 नवीन औद्योगिक क्षेत्र में 1000 हेक्टेयर भूमि विकसित की जायेगी। विकसित भूमि पर उद्योगों के लिए 1000 भू-खण्ड का विकास किया जा रहा है। औद्योगिक क्षेत्रों में अधोसंरचना विकास का कार्य एकेव्हीएन भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, रीवा और सागर द्वारा करवाये जा रहे हैं। इन 7 एकेव्हीएन द्वारा वर्ष गत वित्त वर्ष में 10 औद्योगिक क्षेत्र में 894 हेक्टेयर भूमि विकसित की गई थी। इस वर्ष अधोसंरचना के विकास पर 520 करोड़ रुपये व्यय कर 1998 भू-खण्ड औद्योगिक इकाइयों के निर्माण के लिये विकसित किये गये थे। वर्ष 2014-15 में 6 औद्योगिक क्षेत्र में अधोसंरचना के विकास पर 350 करोड़ की राशि व्यय कर चयनित औद्योगिक क्षेत्रों में उद्योगों की स्थापना के लिये 603 भू-खण्ड विकसित किये गये।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 August 2016

Video

Page Views

  • Last day : 2842
  • Last 7 days : 18353
  • Last 30 days : 71082
Advertisement
Advertisement
Advertisement
All Rights Reserved ©2017 MadhyaBharat News.