Since: 23-09-2009

  Latest News :
सिद्धू की पैरवी कर रही है प्रियंका गांधी.   काऊब्वॉय हैट पहन कर निकले कबूतर.   राहुल गाँधी :किसानों का कर्ज माफ होकर रहेगा.   RBI का अलर्ट अभी और बिगड़ेंगे आर्थिक हालात.   कर्नाटक विधानसभा उपचुनाव के नतीजे घोषित.   हैण्डलूम एक्सपोर्ट कार्पोरेशन ने भुगतान रोका.   कुदरत की मार ने तोड़ी किसानों की कमर.   कैब नागरिकता देने वाला कानून,लेने वाला नहीं.   अतिथि विद्वानों का सरकार के खिलाफ धरना.   बेमौसम बारिश से मंडी में रखी धान बर्बाद.   कार्यालयों से नदारद रहते है पंचायत सचिव.   मुख्यमंत्री के छिंदवाड़ा में शिक्षा विभाग के बुरे हाल.   दो युवतियों की जघन्य हत्या .   किसानो ने किया सीएम भूपेश बघेल का पुतला दहन.   युवक ने किया सरेआम महिला पर हँसिये से हमला.   दुष्कर्मी को पीटने कोर्ट परिसर में दौड़ीं महिलाएं.   ITBP जवान ने साथी पर की फायरिंग 6 की मौत.   नक्सली DKMS अध्यक्ष सन्ना हेमला हुआ सरेंडर.  

कवर्धा News


 CM BHUPESH BAGHEL

धान  का सही मूल्य नहीं मिलने से नाराज है किसान    छत्तीसगढ़ प्रदेश में  किसानो से बड़े - बड़े वादे कर भूपेश बघेल सरकार  सत्ता में आई  |  और लगभग एक साल पूरा होने पर भी जब सरकारआपने वादों पर खरी नहीं उतर पाई  |  तो अब सरकार को किसानो के विरोध का सामना करना पड़ रहा है  | वही किसानो ने  |  मुख्यमंत्री भूपेश  बघेल का पुतला दहन कर खरीदी केन्द्रो का बहिष्कार किया है |  छत्तीसगढ -सत्ता पर काबिज होने के लिए राहुल गांधी ने विधानसभा चुनाव के समय बडी बडी घोषणायें की थी |   लेकिन राज्य सरकार द्वारा वादा ना पूरा किये जाने से भूपेश बघेल सरकार से किसान वर्ग  | इन दिनों काफी नाराज चल रहा है  |  किसानो की  कर्ज माफी , 2500 कि्वन्टल की दर पर धान खरीदी ,धान पर बोनस  और पिछले दो साल के रूके बोनस की राशी देने के वादों ने  | राज्य मे दम तोड दिया है |  किसानो का कहना  है की  |  धान की खरीदी पुराने दर पर ही की जा रही है |  धान खरीदी की सीमा भी कम कर दी गई  |  पिछला बोनस  नही दिया गया है |  इस बार की खरीदी का बोनस मिलने की दूर दूर तक कोई सम्भावना नही दिख रही |  राहुल गांधी के वादों को सच मान कर  | भूपेश बघेल को किसानो का हितैषी मानने वाले किसान  | अब भूपेश बघेल का पुतला दहन कर अपने भाग्य को कोसने लगे है|   तय सीमा में धान लेने से नाराज किसानों ने  मुख्यमंत्री का पुतला जलाया  | और  खरीदी केंद्रों का  बहिष्कार किया है  |  जिले के कई केंद्रों में  विवाद के हालात बने हुए है |  किसानों के प्रदर्शन के बाद राजनीतिक दलों ने भी  |  सरकार के  विरोध का एलान किया | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 December 2019

 GANJA

उड़ीसा से एमपी लाया जाता है गांजा   मुखबिर की सूचान पर पुलिस ने गांजा तस्करों को  पकड़ा है  |  तीन गांजा तस्कर सात  लाख रुपये कीमत का गांजा लेकर जा रहे थे   | ये गांजा उड़ीसा से लाया गया था  |  कवर्धा  पुलिस ने मुखबिर की सुचना पर  | . दविश दी और तीन गांजा तस्करों को गिरफ्तार किया  | इनके पास एक चार पहिया वहान में सवा क्विंटवल गांजा रखा हुआ था  | जिसकी कीमत  सात लाख रुपये बताई गई है  |  पंडरिया थाना इलाके में तस्कर उड़ीसा से गांजा लेकर आये थे और वह इसे मध्यप्रदेश भेजने की फिराक में थे  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 October 2019

छत्तीसगढ़ का कैदी हथकड़ी खोलकर भागा

हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर बुधवार तड़के अफरा- तफरी मच गई। जब भोपाल जिला न्यायालय में छतीसगढ़ के दुर्ग जिले से पेशी पर आया धोखाधड़ी का आरोपी, तीन पुलिस कर्मियों को चकमा देकर हथकड़ी खोलकर फरार हो गया। घटना के बाद बंदी के फरार होने के बाद तीनों पुलिस कर्मी आठ घंटे तक आरोपी की खुद ही तलाश करते रहे , लेकिन जब आरोपी के बारे में कोई सुराग नहीं मिल पाया तो पुलिस कर्मियों ने हबीबगंज जीआरपी थाने पहुंचकर पूरे घटनाक्रम की सूचना दी । घटनाक्रम की जानकारी लगने के बाद पुलिस ने सबसे पहले सीसीटीवी फुटेज देखे जिसमें आरोपी नजर नहीं आ रहा है। जीआरपी पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर आसपास के थानों को सूचना दी। हबीबगंज जीआरपी थाना प्रभारी बीएल सेन के अनुसार दुर्ग पुलिस के आरक्षक सर्वेश कुमार पांडे , हेमंत कुमार और अर्जुन दुर्ग छतीसगढ़ से धोखाधड़ी के आरोपी अमित श्रीवास्तव पिता रामलाल श्रीवास्तव (45) को मंगलवार को भोपाल आए थे। जहां कोर्ट पेश करने के बाद उसको वापस दुर्ग छतीसगढ़ जाना था। इसके वह हबीबगंज प्रतीक्षालय में ठहरे थे। ट्रेन लेट होने के बाद काफी देर तक वह प्रतीक्षालय में आराम कर रहे थे। अमित भी उनके साथ ही बैठा था। अमित श्रीवास्तव बार- बार बाथरूम जाने की बात पुलिसकर्मियों से कर रहा था। रात में दो - से तीन बार वह बाथरूम गया तो पुलिसकर्मियों ने उसको साथ ले गए। इसके बाद पुलिस कर्मियों ने आंख लग गई। इस दौरान आरोपी ने कब हथखड़ी खोल ली और पुलिस कर्मियों को चकमा देकर प्रतीक्षालय से फरार हो गया। हालांकि सूत्रों की मानें तो पुलिस कर्मियों ने रात में उसके बार- बार बाथरूम जाने के कारण उसकी हथकड़ी खुद ही खोल दी थी। जिसका फायदा उठाकर वह फरार हो गया। बीएस सेन की मानें तो बुधवार तड़के चार से साढ़े चार बजे के बीच आरोपी प्रतीक्षालय से फरार हुआ है, उसके बाद आठ घंटे तक छतीसगढ़ पुलिसकर्मी उसको खुद ही तलाशते रहे है। उन्होंने उसकी तलाश के बाद दोनों तरफ के प्लेटफार्म और बाहर भी तलाश की , जब वह नहीं मिला तो उसके बाद उसकी शिकायत दोपहर दो बजे के करीब शिकायत करने पहुंचे थे। उसके बाद आसपास के थानों को सूचना देकर आरोपी का फोटो भेजा गया है। छतीसगढ़ दुर्ग से आए तीनों पुलिस कर्मी आरोपी अमित श्रीवास्तव के पुलिस कस्टडी से फरार होने के बाद बयान पूरे हुए बिना ही अमरकंटक एक्सप्रेस से दुर्ग के लिए रवाना हो गए थे। जब घटना की जानकारी लगने के बाद जीआरपी एसपी रूचिवर्धन मिश्रा ने हबीबगंज के जीआरपी एसआई से जानकारी तो तीन पुलिस कर्मियो के बयान पूरे न होने की जानकारी हुई। उसके बाद तीनों पुलिस कर्मियों को संपर्क कर जीआरपी थाने दोबारा बुलाया गया। प्रभारी एसपी दुर्ग शशिमोहन सिंह ने बताया कि तीनों पुलिस कर्मियों को उनके दुर्ग पहुंचते ही निलंबन के आदेश की कॉपी मिल जाएगी। फिलहाल उनको निलंबित किया जा चुका है। उनके खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू की जाएगी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 January 2018

raman singh cm

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को जन्मदिन पर शनिवार को देश-विदेश से लाखों लोगों ने बधाई दी। जन्मदिन पर वर्चुअल वर्ल्ड में डॉ. रमन के नाम की धूम रही। सीएम हाउस में भी मंत्री, नेता, अफसर सहित हजारों लोग बधाई देने पहुंचे। राजनांदगांव में तो इतने लोग पहुंच गए कि कलेक्टर और एसपी को मोर्चा संभालना पड़ा। डॉ. रमन को बधाई देने सोशल मीडिया पर रेला लगा रहा। बधाई संदेश के साथ हैशटैग एचबीडीरमनसिंह राष्ट्रीय स्तर पर नंबर वन रहा। 15 लाख से ज्यादा लोगों ने इस हैशटैग को ट्विटर पर देखा। यही नहीं यह विश्व में छठवें नंबर पर और गूगल ट्रेंड्स में 19वें नंबर पर रहा। ट्रेंडिंग बताने वाले कई ट्विटर अकाउंट समय-समय पर इस हैशटैग की रैंकिंग बता रहे थे। सोशल मीडिया ट्विटर पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित अनेक केन्द्रीय मंत्रियों तथा देश के विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी जन्मदिन की शुभकामनाएं दी। इसमें केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू, राधामोहन सिंह, सुरेश प्रभु, धर्मेन्द्र प्रधान, नरेन्द्र सिंह तोमर, जगत प्रकाश नड्डा, राजीव प्रताप रूड़ी, डॉ. महेश शर्मा, थावरचंद गेहलोत, कलराज मिश्र, अर्जुनराम मेघवाल, राव इंद्रजीत सिंह, चौधरी बीरेन्द्र सिंह, जुएल उरांव, मेनका गांधी, असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुवर दास और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस शामिल हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 October 2016

chattisghar ias

    एलेक्स पाल मेनन ने अदालत पर की थी टिप्पणी   छत्तीसगढ़ के विवादास्पद आईएएस अधिकारी एलेक्स पाल मेनन की कोर्ट पर टिप्पणी को लेकर सामान्य प्रशासन विभाग ने नईदुनिया में प्रकाशित खबर की कटिंग और सोशल मीडिया में वायरल बयान को मुख्य सचिव कार्यालय को भेजा है। सामान्य प्रशासन विभाग की सचिव निधि छिब्बर ने इसकी पुष्टि की है। मंत्रालय के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबित मुख्य सचिव विवेक ढांड इस संबंध में भेजी गई जानकारी का परीक्षण कराएंगे और मुख्यमंत्री को एक रिपोर्ट सौंपेंगे। बताया जा रहा है कि सीएम की हरी झंडी मिलने के बाद एलेक्स पाल के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा सकती है। वहीं, सामाजिक संगठनों ने प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत मंत्रालय में शिकायत की है। सामाजिक कार्यकर्ता कुणाल शुक्ला ने एलेक्स पाल मेनन द्वारा सोशल मीडिया में न्यायप्रणाली के खिलाफ उंगली उठाने पर कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि एलेक्स शासकीय कर्तव्य के निर्वहन की संवैधानिक शपथ भूल गए हैं। वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी भी एलेक्स के बयान पर जमकर बरसे। जोगी ने कहा कि यह रमन राज है, यहां सबकुछ चलता है। जोगी ने सागौन बंगले में पत्रकारों से चर्चा में कहा कि आईएएस अधिकारियों के लिए आईएएस मैनुअल में गाइड लाइन होती है, जिसका सभी अधिकारियों को पालन करना चाहिए। जोगी ने कहा कि 16 साल आईएएस और दो साल आईपीएस रहने के कारण मैं इस बात को गंभीरता से समझता हूं। आज के अधिकारियों को आईएएस मैनुअल को गंभीरता से पढ़ना चाहिए और उसे समझकर पालन करना चाहिए। लेकिन प्रदेश के नए आईएएस इसका पालन नहीं कर रहे हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 June 2016

cm fatte singh

  कवर्धा में  लोक सुराज अभियान के तहत मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह का हेलिकॉप्टर पंडरिया विकासखंड के वनांचल ग्राम देवसरा में उतरा। यहां उन्होंने पीपल पेड़ के नीचे चौपाल लगाकर लोगों की समस्याएं सुनी और शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं के बारे में ग्रामीणों को बताया। मुख्यमंत्री जब चौपाल में आकर बैठे तभी गांव के 85 वर्षीय फत्तेसिंह मंच पर चढ़ने लगे।हालांकि जवानों ने उन्हें रोकने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं रुके। मुख्यमंत्री ने भी जवानों से कहा उन्हें आने दो। मंच पर पहुंचते ही फत्ते सिंह ने सीएम से पूछ लिया कि मुझे पहचानते हो, मैं आपके साथ खूब घूमा हूं।  फत्ते सिंह यहीं नहीं रुके और बोले आपके साथ प्रदर्शन में भोपाल तक गया हूं और साथ सोया भी हूं। फत्तेसिंह की ये बात सुनकर सीएम सहित सांसद, मुख्य सचिव और अन्य भी ठहाके लगाकर हंसने लगे। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आपको कैसे नहीं पहचानूंगा। चौपाल में राहत राशि नहीं मिलने की समस्या लेकर पहुंचे फत्तेसिंह की समस्या को जल्द से जल्द हल करने का निर्देश सीएम ने कलेक्टर को दिया। देवसरा में आयोजित चौपाल में मुख्यमंत्री के साथ मुख्य सचिव विवेक ढांड और सीएम के संयुक्त सचिव रजत कुमार भी पहुंचे। साथ ही सांसद अभिषेक सिंह, संसदीय सचिव मोतीराम चंद्रवंशी, भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष विजय शर्मा और जिलाध्यक्ष रामकुमार भट्ट मुख्य रूप से मौजूद थे। चौपाल में मौजूद सीएस विवेक ढांड ने कहा कि पूरे प्रदेश के गांव में रहने वाले ग्रामीणों को अब नई पहचान मिलेगी। शहरी लोगों के पास तो कई प्रकार के पहचान पत्र होते हैं, लेकिन ग्रामीणों क्षेत्रों के रहवासियों के पास नहीं। ऐसे में ग्रामीणों को उनकी पहचान दिलाने के लिए मुख्यमंत्री आबादी पट्टा स्कीम की शुरूआत की जा रही है। प्रदेश में लगभग 46 लाख परिवार गांव में निवासरत है और शहर में 11 लाख परिवार। इन ग्रामीण परिवार को उनकी पहचान दिलाने के लिए इस योजना की शुरुआत की जा रही है। वर्ष 2016 में सभी ग्रामीणों को मुख्यमंत्री आबादी पट्टा दिया जाएगा। सीएस ने मंच से ही कलेक्टर को अगले 3 महीने में सभी को पट्टा दिलाने निर्देशित किया। इसके पहले सीएस ने विभिन्न विभागीय अधिकारियों को मंच पर बुलाकर शासकीय योजनाओं के संचालन की समीक्षा की। चौपाल में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से पूछा कि देवसरा के सरपंच का कामकाज कैसा है। इतने में सभी ने एक साथ कहा एक नंबर। यह सुनते ही मुख्यमंत्री ने कहा कि मर्सकोले जी तो एक नंबर हे। उन्होंने कहा कि सुराज अभियान के तहत चौपाल लगाने का मुख्य कारण ये है कि गांव-गांव तक शासन की योजनाएं पहुंच रही है या नहीं। ग्रामीणों के लिए स्वास्थ्य, शिक्षा, राशन सहित संचालित अन्य योजनाएं उन तक पहुंच रही है या नहीं इसका आंकलन ही लोक सुराज है। सीएम ने कहा कि जल्द ही उज्वला योजना के तहत सरकार 21 लाख परिवार को 200 रुपए के रजिस्ट्रेशन में गैस कनेक्शन देगी। इसमें 350 करोड़ रुपए से अधिक की राशि खर्च होगी। आना मेरे गांव तुम्हें मैं दूंगी फूल कनेर के... जैसे गीत सुनते ही चौपाल में तालियां बजने लगी। स्कूल में संचालित प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों में पढ़ाई सहित अन्य विषयों के बारे में जानकारी लेने के लिए सीएम ने स्कूली बच्चों को मंच पर बुलाया। बच्चों ने सीएम को कविता और पाहड़ा भी सुनाया। सीएम ने चौपाल में मौजूद शिक्षकों से कहा कि वे समय पर स्कूल पहुंचे और बच्चों को बेहतर शिक्षा दें। वहीं गांव में 12वीं तक की पढ़ाई के लिए स्कूल खोलने की मांग पर सीएम ने कहा कि इस पर विचार किया जाएगा।     Attachments area          

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 May 2016

Video

Page Views

  • Last day : 5596
  • Last 7 days : 32148
  • Last 30 days : 146931
All Rights Reserved ©2019 MadhyaBharat News.