Since: 23-09-2009

Latest News :
दिल्ली में हेलिकॉप्टर से पानी के छिड़काव की तैयारी.   अचार, मुरब्बा बनाने की तकनीक दुनिया को करती है उत्साहितः मोदी.   गुजरात में चुनाव दिसम्बर में होने के संकेत.   मीडिया की गति और नियति.   PM मोदी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की मौजूदगी में रावण दहन .   राज ठाकरे की चुनौती, पहले सुधारो मुुंबई लोकल फिर बुलेट ट्रेन की बात.   कबीर की शिक्षा समाज के लिये संजीवनी : कबीर महोत्सव में राष्ट्रपति श्री कोविंद.   चित्रकूट में एक हजार से अधिक लायसेंसी हथियार जमा.   भावांतर भुगतान योजना में एक लाख 12 हजार से अधिक किसानों द्वारा 32 लाख क्विंटल उपज का विक्रय .   उद्योग संवर्द्धन नीति-2014 में संशोधन की मंजूरी.   मुख्यमंत्री शिवराज के निवास पर दशहरा पूजा.   मानव जीवन के लिए नदी बचाना जरूरी : चौहान.   मूणत CD कांड - फॉरेंसिंक रिपोर्ट आते ही शुरू होगी CBI जांच.   मूणत की CD का सच सीबीआई को सौंपने दिल्ली पहुंची एसआईटी.   पुलिस लाइन रायगढ़ के प्रशासनिक भवन में आग.   बीमार पत्नी से झगड़ा पति, हत्या कर फांसी पर झूला.   बस्तर दशहरा के लिए माई जी को न्यौता.   बस्तर को अलग राज्य बनाने की मांग.  

बालोद News


 करंट से चार लोगों की मौत

बालोद के गुरुर थाना क्षेत्र के ग्राम सोरर में शुक्रवार सुबह 7 बजे एक ही परिवार के चार लोगों की करंट लगने से मौके पर ही मौत हो गई। इसमें मां राजबाई, पुत्र सत्यनारायण, बड़ी बहू डामीन और छोटी बहू चित्ररेखा हादसे का शिकार हो गई। रोज की तरह पानी के लिए स्विच आॅन करने के दौरान यह हादसा हुआ। जैसे ही घटना की जानकारी परिजनों को लगी, पुलिस को सूचना दी गई और तुरंत मौके पुलिस मौके पहुंच कर पंचनामा कर जांच में जुट गई। साथ ही पोस्टमार्टम के लिए शव को भेज दिया गया है। पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार पोस्टमार्टम पश्चात शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा, जिसके बाद परिजन शवों का अंतिम संस्कार कर सकते हैं। हादसे का खुलासा पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही हो सकेगा। हालांकि पुलिस जांच में जुटी हुई है। अनुमान यह लगाया जा रहा है कि एक दूसरे को बचाने के प्रयास में पूरा का पूरा परिवार करंट की चपेट में आ गया होगा। साथ ही मौके पर पहुंचे पुलिस के जवानों का यह भी मानना है कि बाड़ी में बरसात की वजह से सब तरफ पानी-पानी होने की वजह से करंट एक दूसरे को जल्दी लगा होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 July 2017

टमाटर  सड़क पर

धमधा क्षेत्र के किसानों ने  सैकड़ों कैरेट टमाटर को सड़क पर फेंककर नोटबंदी के खिलाफ प्रदर्शन किया। किसानों में इतना जर्बरदस्त आक्रोश था कि सड़क पर ट्रैक्टर को लाइन से खड़ी कर नारे बाजी के साथ सड़क पर टमाटर गिरा दिए। इस दौरान 45 से अधिक टैक्टर में लाए टमाटर सड़क पर डाल दिए गए। प्रदर्शन कर रहे किसान कांग्रेस व किसानों ने कहा कि धमधा क्षेत्र पूरे प्रदेश में टमाटर उत्पादन में आग्रणी माना जाता है। लाखों रुपए खर्च कर क्षेत्र में किसान हजारों हेक्टेयर में टमाटर का उत्पादन करते हैं। यहां का टमाटर देश के महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, उड़िसा, आन्ध्रप्रदेश, दिल्ली सहित कई राज्यों में जाता है। वहीं देश में 08 नवंबर से नोटबंदी के पश्चात अन्य राज्यों से आने वाली गाड़िया लगभग बंद हो गई है। यहीं से टमाटर की कीमतों में भारी कमी आने लगी है। आज हालात यह है कि 25 किलो का कैरेट 25 रुपए में भी नहीं बिक रहा है। उत्पादन लागत तो दूर किसानों को तुड़ाई खर्च भी निकलना मुश्किल हो रहा है। एैसे में किसान अपने आप को ठगा महसूस कर रहे हैं। आर्थिक व मानसिक परेशानी से जुझ रहे किसानों के सामने बैंक सहित अन्य कर्ज को चुकाने में दिक्कतें आ रही है। नगर में आज ब्लाक कांग्रेस और किसान कांग्रेस के सयुंक्त पूर्व नेता प्रतिपक्ष रविन्द्र चौबे के नेतृत्व में सर्वप्रथम विशाल धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया। सभा को संबोधित करते हुए रविन्द्र चौबे ने कहा कि नरेन्द्र मोदी की सरकार के नोट बंदी की वजह से पूरे देश का किसान बर्बादी की कगार पर खड़ा है। कुछ पुंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के उद्देश से लिया गया नोटबंदी का निर्णय पूरे देश को तबाह कर दिया है। किसान, मजदूर, व्यापारी, गरीब सहित सभी वर्गो की कमर टूट गई। देश की आर्थिक हालात बदतर हो गई है। उन्होंने मोदी सहित रमन सरकार की भी तीखी आलोचना की। सभा को पूर्व अध्यक्ष राजीव गुप्ता, किसान नेता, संतोष राणा, डॉ. नजीर कुरैशी, शिव वर्मा, किसान कांग्रेस ललित सोनकर, सरपंच दालू साहू, केशव वैष्णव, श्रीकांत शर्मा, बलराम वर्मा ने भी सभा को भी संबोधित किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 December 2016

chattisghar police

        बालोद  में मानव तस्करी का बड़ा मामला सामने आया है। इलाहाबाद में डांस के नाम पर देह व्यापार में धकेली जा रही राज्य की सात लड़कियों को पुलिस ने छुड़ाया है। बालोद पुलिस को इस मामले में बड़ी सफलता मिली है। दो महिला आरोपी पकड़ी गई हैं। बताया जाता है कि राज्य की 14 लड़कियां इस गिरोह के चंगुल में थी। छह लड़कियो को छुड़ाने व सरगना शेरू को पकड़ने के लिए टीम रवाना की गई है। इस मामले में कुल 7 लड़कियों को लाया गया,जो सभी नाबालिग हैं। इनमें बालोद की एक, कोरबा की 3 और तीन चांपा जांजगीर की हैं। जहां से लड़कियों को गिरफ्तार किया गया वहां नेपाल और उत्तरांचल क्षेत्र की भी लड़कियां मिली हैं। अभी छत्तीसगढ़ से और लड़कियों के शामिल होने की सम्भावना है। पुलिस के अनुसार नाबालिग लड़कियो को पैसे कमाने का जरिया बनाया गया था। जवाहरपारा की धनेश्वरी देवार इसकी मुख्य सूत्रधार थी जो वैसे तो भीख मांगने का काम करती थी,किन्तु इसकी आड़ में वह ऐसी गरीब लड़कियों पर नजर रखती थी जिन्हें डान्स सिखाने का ऑफर देकर अच्छे काम में लगाने का लालच दिया जाता था। इसके बाद इन लड़कियों को देह व्यापार के घिनोने कार्य में लगाने का काम सुरेश सोनकर नामक दलाल और इलाहाबाद में अपनी बहन पायल के माध्यम से करवाया जाता था। पीड़ित लड़कियों को मुक्त करवा लिया गया है। पीड़ित लड़कियों ने इन दरिंदो के दहला देने वाले कृत्य को अपने मुख से बताया, जिसमें प्रमुख रूप से उनका सौदा कर बेच देना ,खाने में नशीली गोलियों का सेवन करवाना, जबरदस्ती डांस के बहाने व्यभिचार के कार्यो में लगवा देना , आये दिन मारपीट करना आदि रोज का काम था।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 June 2016

Video

Page Views

  • Last day : 2842
  • Last 7 days : 18353
  • Last 30 days : 71082
Advertisement
Advertisement
Advertisement
All Rights Reserved ©2017 MadhyaBharat News.