Since: 23-09-2009

Latest News :
दिल्ली का शाहीन बाग खाली.   भारत की कोशिशों को WHO ने सराहा.   अब संसद में भी हुआ लॉकडाउन.   सुप्रीम कोर्ट ने दिया बड़ा आदेश.   लॉक डाउन कर खुद को और परिवार को बचाएं.   अब जनता कर्फ्यू पैनिक न फैलाएं.   कोरोना से लड़ने के लिए पुलिस प्रशासन अलर्ट.   दिग्विजय सिंह ने कहा मैं आपके साथ हूँ.   शिवराज :रोजमर्रा की चीजें उपलब्ध कराई जाएंगी.   इंदौर में 5 कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीज मिले.   कोरोना वायरस के चलते बड़ा फैसला.   ऑटो से लकड़ियां जप्त की गईं.   लॉकडाउन में भूपेश सरकार ने लिए बड़े फैसले.   मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शहीदों को दी.   सुकमा में नक्सली मुठभेड़ 17 जवान शहीद.   छत्तीसगढ़ में मिला कोरोना का पहला पॉजिटिव केस .   छत्तीसग़ढ विधानसभा 26 मार्च तक के लिए स्थगित.   बारिश और ओलों से छत्तीसगढ़ में फसल बर्बाद.  
किसान परेशान ,डेढ़ रुपए किलो टमाटर
tomato
 
जशपुर जिले में टामाटर के बम्पर उत्पादन के बाद जहां किसानों के चेहरे खिल उठे थे, वहीं गुरुवार को किसानों के चेहरे तब उतर गए जब वे पत्थलगांव और फरसाबहार विकासखंड के मंडियों में डेढ़ रुपए किलो टमाटर बेचने के लिए मजबूर हो गए। 50 रुपए टोकरी से बाजार की शुरूआत हुई, जो दोपहर में 25 रुपए टोकरी हो गई। टमाटर बाजार में कीमतों में हो रही इस गिरावट से किसान मायूस हो गए हैं।
किसानों को उम्मीद थी कि गुरुवार को बाजार में किसी भी स्थिति में वे 3 से 5 रुपए किलो टमाटर बेच सकेंगे, लेकिन किसानों की सारी उम्मीद तब टूट गई, जब बाजार में कुछ मिनटों में ही भाव गिर गए। बाजार की शुरूआत लगभग 5 रुपए किलो से हुई और दोपहर 12 बजे के बाद देखते ही देखते डेढ़ रुपए किलो टमाटर बिकने लगे। पल भर में कीमतों में इस कदर गिरावट देख किसानों के होश उड़ गए, लेकिन किसानों के पास कोई और उपाए भी नहीं था।
कीमत कम होने के बाद भी कई किसानों के टमाटर नहीं बिके और किसानों को निराश लौटना पड़ा। थोक बाजार में किसान 25 रुपए टोकरी टमाटर बिचौलियों एंव बाहर से आए व्यापारियों को बेच रहे हैं। किसान आमदनी से कोसो दूर हैं, वहीं बिचौलियों को प्रति किलो 5 से 10 रुपए का लाभ हो रहा है। शहरी क्षेत्र में गुरुवार सुबह खुदरा बाजार में टमाटर की कीमत सुबह 10 रुपए किलो रही, लेकिन दोपहर बाद शहरी क्षेत्रों में भी टमाटर के भाव गिरने लगे। जशपुर के टमाटर से प्रदेश सहित झारखंड, ओड़ीशा, पश्चिम बंगाल की मंडिया गुलजार होती रही हैंं, लेकिन कई राज्यों को गुलजार करने वाले यहां के किसान निराश हैं।
किसानों की हालत को इसी बात से समझा जा सकता है कि यहां के किसान बिचौलियों के द्वारा नियत मूल्य पर टमाटर बेच रहे हैं। जिले के लोवर घाट क्षेत्र में किसानों को सबसे अधिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, जहां सबसे अधिक उत्पादन हुआ है। लोवर घाट लोरो घाटी के नीचे के हिस्से को कहा जाता है, जो जशपुर से रायगढ़ रोड पर स्थित है। विशेषकर पत्थलगांव विकासखंड टमाटर बाजार के क्षेत्र में सबसे बड़ी मंडी है। क्षेत्र के हाट, बाजारों में जहां किसान अपनी उपज बेचने आते हैं, वहीं सड़क के दोनों ओर किसानों को अपनी उपज बेचते हुए देखा जा सकता है।
MadhyaBharat 2 December 2016

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 2467
  • Last 7 days : 25712
  • Last 30 days : 91701


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.