Since: 23-09-2009

  Latest News :
बिहार के किशनगंज में स्कॉर्पियो और डंपर की टक्कर में पांच की मौत.   वायु सेना के एयर शो में आसमानी करतब.   कांग्रेस नेता गौरव गोगोई लोकसभा में होंगे पार्टी के उप नेता.   चुनावी रैली के दौरान अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प पर गोलियां चलाई गई.   जम्मू-कश्मीर के राजनीतिक दलों ने उप राज्यपाल को अधिक अधिकार देने का किया विरोध.   शादी के बंधन में बंधे अनंत-राधिका.   नर्मदापुरम के प्राइवेट स्कूलों पर भी शिक्षा विभाग सख्‍त.   चलती कार पर पत्थर मारकर रिटायर्ड नर्स की हत्या.    दाे ट्रकों में आमने सामने की भिड़ंत के बाद लगी भीषण आग.   वाणिज्यिक कर कार्यालय की दूसरी मंजिल में लगी आग.   इंदौर की पहचान एक पेड़ मां के नाम.   कैबिनेट मंत्री गाेविंद सिंह राजपूत और अर्जुन अवार्डी खिलाड़ी दीपा मलिक ने किए बाबा महाकाल के दर्शन.   जनजनित बीमारियों की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य शिविर लगाएं : मुख्यमंत्री साय.   छत्तीसगढ़ में अब तक 248.5 मिमी औसत वर्षा दर्ज.   गर्भवती महिला को तीन किमी कांवर में उठाकर पहुंचाया अस्पताल.   प्रवेश सूची में नाम देखने पहुंचे विद्यार्थी.   चरणपादुका पाकर खिले कमार बच्चों के चेहरे.   छत्तीसगढ़ में सात महीनों के भीतर अपराध में काफी कमी आई.  
नेता प्रतिपक्ष ने प्रस्तावित अविश्वास प्रस्ताव पर कार्यवाही हेतु स्मरण पत्र कलेक्टर को सौंपा
korba, Leader of Opposition ,no-confidence motion

कोरबा। नेता प्रतिपक्ष हितानंद अग्रवाल की अगुआई में महापौर राजकिशोर प्रसाद के खिलाफ लाए जा रहे अविश्वास प्रस्ताव को निगम के 30 भाजपाई पार्षदों के हस्ताक्षर युक्त पत्र के साथ बुधवार को स्मरण पत्र कलेक्टर को सौंपा गया। विगत माह भाजपा पार्षद दल ने ज्ञापन सौंप कर अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था। किंतु एक माह से अधिक समय बीत जाने के बाद भी आज तक प्रस्ताव पर कोई कार्यवाही नहीं होने से रुष्ट भाजपा पार्षद दल ने आज पुनः जिलाधीश मुलाकात कर शीघ्र अविश्वास प्रस्ताव हेतु सम्मिलन आहूत करने हेतु आग्रह किया।

 

 

नेता प्रतिपक्ष हितानंद का कहना है कि कोरबा नगर निगम की कुर्सी पर एक ऐसा मेयर बैठा दिया गया है, जिन्होंने एक-एक दिनकर चार साल गुजार दिए और उपलब्धि तो दूर ढेरों काम यूं ही फाइलों में पेंडिंग पड़ा है। उल्टे निगम क्षेत्र में सड़क, सफाई और पानी की समस्याओं का अंबार है। ऐसे निष्क्रिय और असफल महापौर को हटाना ही कोरबा के हित के लिए जरुरी हो जाता है। यही वजह है जो यह अविश्वास प्रस्ताव लाया जा रहा है। नगर निगम महापौर का रिमोट कंट्रोल कहीं और है। आप अच्छी तरह जानते है कि किसके इसारे में निगम में भारी भष्टाचार हो रहा है। जानता सब जानती है, जानता सर पर बैठा सकती है तो सर से उतार के पटकने में टाइम नहीं लगाती है। चार साल गुजार दिए और उपलब्धि तो दूर ढेरों काम यूं ही फाइलों में पेंडिंग पड़ा है। उल्टे निगम क्षेत्र में सड़क, सफाई और पानी की समस्याओं का अंबार है। ऐसे निष्क्रिय और असफल महापौर को हटाना ही कोरबा के हित के लिए जरुरी हो जाता है।

 

 

 

उल्लेखनीय है कि पूर्व में नगर निगम कोरबा के महापौर राजकिशोर प्रसाद के विरुद्ध छत्तीसगढ़ नगर पालिक निगम अधिनियम 1956 की धारा 23 के तहत अविश्वास प्रस्ताव बुधवार सुबह 11 बजे 30 भाजपा पार्षदों के हस्ताक्षर युक्त पत्र कलेक्टर को सौंपा गया। इस पत्र के अनुसार शहर में विकास कार्य पूरी तरह ठप पड़े हैं। कोरबा के महापौर कुंभकरण की नींद में सोए हुए हैं। उनको जनता के सुख-दुख से कोई मतलब नहीं है। नगर निगम क्षेत्र की जनता को महापौर के ऊपर अब विश्वास नही रहा, जिसके कारण अनेक कारण हैं।

 

 

इस दौरान पार्षद ऋतु चौरसिया, नरेंद्र देवांगन, सुफल दास महंत, कमला देवी बरेठ, पुराइन बाई कंवर, धनश्री अजय साहू, उर्वशी सुजीत राठौर, अजय गौड़, बुधवार साय यादव, कविता नारायण ठाकुर, ममता बालिराम साहू, नर्मदा लहरे, गंगा राम भारद्वाज, प्रतिभा निखिल शर्मा, अमित मिंज, फिरत साहू सहित भाजपा पार्षद कार्यकर्ता उपस्थित रहें |

MadhyaBharat 13 September 2023

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.