Since: 23-09-2009

  Latest News :
भारतीयता का मूल हैं हमारे परिवार.   पठानकोट में फिर घुसा पाकिस्तान का ड्रोन.   लुंबिनी यात्रा का उद्देश्य भारत-नेपाल संबंधों को मजूबत करना : प्रधानमंत्री मोदी.   ज्ञानवापी मस्जिद परिसर सर्वे: दूसरे दिन चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था.   डॉ. मानिक साहा ने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली .   राजीव कुमार ने 25वें मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में कार्यभार संभाला.   सुरक्षा करने वालों की सुरक्षा भी जरूरी.   आगामी सप्ताह पूरे प्रदेश में होंगे जन-कल्याण कार्यक्रम, मुख्यमंत्री चौहान ने की समीक्षा.   महिला मोर्चा के राष्ट्रीय प्रशिक्षण वर्ग में भाग लेने भोपाल पहुंचीं स्मृति ईरानी .   सिवनी मॉब लिचिंग मामले की एसआइटी करेगी जांच.   मुख्यमंत्री चौहान ने लगाए नीम और पीपल के पौधे.   गुना में शिकारियों से मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मियों की मौत.   देश को श्रीलंका की राह पर केंद्र सरकार ले जा रही : कांग्रेस.   छत्तीसगढ़ में कानून का राज : कांग्रेस.   आईईडी ब्लास्ट में छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल का जवान घायल.   पैरावट में आग लगने से छात्रा की जलकर मौत.   छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं और 12वीं का परिणाम किया जारी .   हेलिकॉप्टर क्रैश के उच्चस्तरीय जांच के निर्देश.  
प्रोफेसर सांई बाबा समेत 6 को उम्रकैद ,नक्सलियों के थे मददगार
प्रो. जेएन सांई बाबा

कांकेर के गढ़चिरौली सेशन कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाते हुए दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रो. जेएन सांई बाबा समेत 6 लोगों को उम्रकैद की सजा दी है। बाकी दोषियों में हेम मिश्रा, प्रशांत राही, विजय तिर्की, पांडू नरोटे व महेश तिर्की शामिल हैं। इन पर नक्सलियों की मदद का आरोप साबित हुआ है।कड़ी सुरक्षा के बीच प्रो. सांई बाबा समेत सभी आरोपियों को गढ़चिरौली कोर्ट लाया गया। 3:10 बजे कोर्ट ने सजा सुनाई। यह पहला मौका है, जब नक्सल मामले में एक साथ 6 लोगों को उम्रकैद की सजा हुई है। दिल्ली यूनिवर्सिटी में अंग्रेजी के प्रो. सांई बाबा (51) को 9 मई 2014 को गिरफ्तार किया गया था।

इन पर नक्सलियों के बड़े नेताओं से संपर्क में रहने व उनके बीच मध्यस्थ का काम करने का आरोप था। माओवादी संगठन को राष्ट्रीय स्तर पर विस्तार करने में इनकी प्रमुख भूमिका बताई गई है। पुलिस आरोप पत्र के अनुसार नक्सली संगठन में सांई बाबा 'प्रकाश और चेतन' के नाम से जाने जाते थे।

विदेशी दौरों के खतरनाक उद्देश्य : प्रो. सांई बाबा खतरनाक उद्देश्य के लिए हॉलैंड, लंदन, जर्मनी, ब्राजील, अमेरिका, हांगकांग के साथ- साथ जर्मनी का दौरा भी कर चुके हैं। इन यात्राओं का लक्ष्य तमाम आतंकवादी संगठन खासकर माओवाद से प्रभावित उग्रवादियों को संगठित करना व नेटवर्क को मजबूत बनाना था। प्रो. सांई बाबा आंध्रप्रदेश के उ. गोदावरी जिले के अमलापुरम के रहने वाले हैं। शारीरिक दिक्कतों के चलते ट्राइसिकल से आवाजाही करते हैं।

 

MadhyaBharat 8 March 2017

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2022 MadhyaBharat News.