Since: 23-09-2009

  Latest News :
मालगाड़ी से कुचल कर 16 मजदूरों की मौत.   साद के खिलाफ गैरइरादतन हत्या का मामला.   कोरोना पर शिवपुरी की जिज्ञासा का गाना.   पीएम मोदी ने सर्वदलीय बैठक में दिए संकेत.   तब्लीगी जमात के लोगों ने फेंकी पेशाब भरी बोतलें.   14 अप्रैल से आगे जारी रह सकता है लॉकडाउन.   नकुलनाथ गुमशुदा पोस्ट पर विवाद.   पलायन कर रहे मजदूरों को दिया भोजन .   नहीं रुक रहा मजदूरों का पलायन.   कांग्रेस को उम्मीद बीजेपी में होगा विद्रोह.   बक्स्वाहा में ट्रक पलटा से 5 मजदूरों की मौत.   बीजेपी में चल रहा है महासंग्राम.   सर्चिंग के दौरान पुलिस-नक्सली मुठभेड़.   नक्सलियों का रिमोट बम किया गया निष्क्रिय.   900 किमी झारखण्ड पैदल जाने पर अड़े मजदूर.   शराब दुकानों में शाराब खरीदने की मची होड़.   बघेल सरकार की शराब नीति के खिलाफ अभियान.   16 लाख का इनामी नक्सली हुआ ढेर.  
नहर के पुल पर पानी ,लगा लंबा जाम

टोन्स जल विद्युत परियोजना में बड़ी लापरवाही

 मेंटेनेंस और साफ सफाई होती है सिर्फ कागजों में

 

टोंस जल विद्युत परियोजना के अधिकारीयों की बड़ी लापरवाही  के चलते नहर पुल के नीचे पानी भर गया है  | जिसकी वजह से हाईवे का यातायात पूरी तरह रुक गया   | परियोजना में बायोडक्ट की साफ सफाई एवं मेंटिनेंस सिर्फ  कागजों में किये जा रहे है  | आलम यह है की नहर के पानी  में ट्रक और कारें तैरती नजर आ रही है |  

रीवा सिलपरा टोन्स जल विद्युत परियोजना के अधिकारियों की लापरवाही के कारण रीवा अमरकंटक हाईवे पर  जाम लग गया  |  नहर पुल के नीचे करीब 5 फ़ीट पानी भरने से जहाँ यातायात बाधित हो चुका है  | लगातार बढ़ते पानी के चलते आमजन जीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त  है   |  वहीं विभाग के जिम्मेदार सबकुछ देखकर भी मूकदर्शक बने हुए हैं  | बताया जा रहा है की  टोन्स जल विद्युत परियोजना में बायोडक्ट की साफ सफाई एवं मेंटिनेंस हेतु टेंडर निकालकर कागजों में ही कार्य कराया जाता है   |  पावर जनरेटिंग कंपनी के अधिकारियों की लापरवाही की वजह से सफाई ना होने से पानी  रोड पर भर जाता है  |  नहर के पानी में एक ट्रक व कार तैरते नजर आये  |

टोन्स जल विद्युत परियोजना में भ्रष्टाचार चरम पर है  .|  पिछले लगभग 5-6 वर्षों से परियोजना प्रमुख के रुप में पदस्थ   |  मुख्य अभियंता  की कारगुजारियों से परियोजना को ग्रहण लग चुका है   |  2 वर्ष पूर्व बरसात के समय ही टीएचपी सिरमौर का गेट टूटकर बह गया था | जिससे कंपनी का करोडो़ का नुकसान हुआ था  | सूत्र बताते हैं  की टीएचपी कैनाल की सफाई एवं मशीनों का मेंटिनेंस प्रतिवर्ष केवल कागजों में ही होता है   | मेंटेनेंस  के नाम पर नामचीन ठेकेदार से कमीशन लेकर केवल खानापूर्ति की जाती है   | कलेक्टर ने यातायात बाधित होने पर नाराजगी व्यक्त की है  | साथ ही तुरंत कार्यवाही कर आवागमन खोलने के निर्देश दिए है | 

MadhyaBharat 19 August 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 1899
  • Last 7 days : 11576
  • Last 30 days : 61845


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.