Since: 23-09-2009

  Latest News :
मालगाड़ी से कुचल कर 16 मजदूरों की मौत.   साद के खिलाफ गैरइरादतन हत्या का मामला.   कोरोना पर शिवपुरी की जिज्ञासा का गाना.   पीएम मोदी ने सर्वदलीय बैठक में दिए संकेत.   तब्लीगी जमात के लोगों ने फेंकी पेशाब भरी बोतलें.   14 अप्रैल से आगे जारी रह सकता है लॉकडाउन.   नकुलनाथ गुमशुदा पोस्ट पर विवाद.   पलायन कर रहे मजदूरों को दिया भोजन .   नहीं रुक रहा मजदूरों का पलायन.   कांग्रेस को उम्मीद बीजेपी में होगा विद्रोह.   बक्स्वाहा में ट्रक पलटा से 5 मजदूरों की मौत.   बीजेपी में चल रहा है महासंग्राम.   सर्चिंग के दौरान पुलिस-नक्सली मुठभेड़.   नक्सलियों का रिमोट बम किया गया निष्क्रिय.   900 किमी झारखण्ड पैदल जाने पर अड़े मजदूर.   शराब दुकानों में शाराब खरीदने की मची होड़.   बघेल सरकार की शराब नीति के खिलाफ अभियान.   16 लाख का इनामी नक्सली हुआ ढेर.  
इनामी नक्सली दंपती ने किया समर्पण

एक भाई पुलिसवाला तो दूसरा नक्सली 

 

बस्तर की यह कहानी भी थोड़ी सी फ़िल्मी है  | एक भाई पुलिस में है तो दूसरा भाई नक्सलवादी |  पुलिस वाला भाई  नक्सली भाई को समझाता है चिठ्ठी भेजता है  | भाई के समझाने से नक्सली भाई आत्मसमर्पण  कर देता है  | आत्मसमर्पण करने वाले इस नक्सली पर पांच लाख का इनाम था  |  

किसी फिल्मी कहानी की तरहा एक भाई था नक्सली तो दूसरा भाई था पुलिस वाला | भाई को सरकारी वर्दी मे देख कर नक्सली भाई  प्रभावित तो होता है लेकिन नक्सलवादियों का साथ नहीं छोड़ता  |  पुलिसवाला भाई जब बार बार समझाता है  | सरकार की पुनर्वास नीति के बारे में बताता है तब  | नक्सली भाई अपनी पत्नी के साथ बस्तर पुलिस के सामने  सरेंडर कर देता है  | इन नक्सली पति पत्नी पर  पांच-पांच लाख का इनाम भी घोषित था  |  ये नक्सली छत्तीसगढ़ और ओडिशा में लंबे समय से सक्रिय रहकर कई बड़ी  वारदातों को अंजाम दे चुके हैं.|  सरेंडर नक्सली सोमारू नक्सलियों के दलम में एलओएस कमांडर था जबकि उसकी पत्नी मंजु एसओएस की सदस्य   |  

बस्तर आईजी विवेकानंद सिन्हा ने जानकारी देते हुए बताया कि सरेंडर नक्सली सोमारू 7 साल की उम्र से नक्सलियों के संगठन से जुड़ा हुआ था |   2006 से 2014 तक बस्तर में सक्रिय रहने के दौरान नक्सली लीडर राजमन का वह गनमैन रहा  |  इसके बाद उसे एरिया कमांडर और फिर एलओएस कमांडर बनाया गया |  कई बड़ी वारदातों में  शामिल रहा है | आत्मसमर्पित नक्सली सोमारू ने बताया कि उनका भाई बीजापुर जिले के बांगापाल थाने में आरक्षक के पद पर पदस्थ है और 2017 से लेटर के माध्यम से बार-बार सरेंडर करने को कहता रहा  |   इसके बाद दोनों ही नक्सलियों ने आईजी के समक्ष सरेंडर कर दिया  सोमारू की पत्नी मंजु ने बताया कि ओडिशा में नक्सल संगठन पहले के मुकाबले काफी कमजोर हो चुका है, लेकिन छत्तीसगढ़ में संगठन के लोग अभी भी सक्रिय है  |  

 

MadhyaBharat 23 August 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 1899
  • Last 7 days : 11576
  • Last 30 days : 61845


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.