Since: 23-09-2009

  Latest News :
PM नरेंद्र मोदी ने दिल्लीवालों से शांति की अपील.   SC : सार्वजनिक सड़क प्रदर्शन के लिए नहीं.   बारातियों से भरी बस नदी में गिरी 30 की मौत .   भारत-USA के बीच 3 अरब डॉलर की डिफेंस डील.   CAA विरोध का उपद्रव हिंसा में सात लोगों की मौत.   मोटेरा में दिखी ट्रंप-मोदी की दोस्ती.   अखबार में छपे सरकारी विज्ञापन को लेकर घिरी सरकार.   महिला के साथ रेप कर हत्या करने वाला गिरफ्तार.   यूएसए और निगम फायर फाइटरों का संयुक्त अभ्यास.   जर्जर भवन में गढ़ता कल का भविष्य.   कर्ज में डूब रहा है कमलनाथ का मध्यप्रदेश.   शिक्षकों को अपमानित करने वाला फरमान.   जिला पंचायत के नवनिर्वाचित सदस्यों ने ली शपथ.   पखांजूर में धान खरीदी नहीं होने से घुस्साये किसान.   अस्पताल से छह दिन का बच्चा चोरी.   जवानों ने बरामद किया प्रेशर आईईडी बम.   अस्तित्व में आया गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला.   CM भूपेश ने बच्चों से कहा डर छोड़कर साहसी बनें.  
महिला कमांडोज में ढहाया नक्सली स्मारक
 NAKSALI

नक्सल चुनौतियों का जवाब देती महिला कमांडो

 

नक्सलियों के गढ़ दंतेवाड़ा  के आधार क्षेत्र पोटाली में पुलिस कैंप स्थापना के बाद लगातार दूसरे दिन भी नक्सलियों का स्मारक ध्वस्त किया गया  | कैंप से कुछ ही दूरी पर स्थित नक्सली नेताओं के नाम स्थापित एक स्मारक को डीआरजी की महिला कमांडोज ने ढहाया |एक दिन पहले इलाके में स्थापित नक्सली लीडर वर्गीस माड़वी और लिंगा के  स्मारक को भी जवानों विस्फोट कर ध्वस्त किया था  | 

नक्सलियों के गढ़ पोटाली में नक्सली ग्रामीणों के जरिये पुलिस कैम्प का विरोध कर रहे थे | नक्सली नहीं चाहते कि उनके इलाके में सुरक्षा बल पहुंचें  | लेकिन पोटाली में पुलिस कैंप की स्थापना के बाद |महिला कमांडोज ने  नक्सली स्मारक को सब्बल और गैंती-फावड़ा से तोड़ दिया  |  ये महिला कमांडोज पिछले एक सप्ताह से पोटाली कैंप में रहकर नक्सल चुनौतियों का जवाब दे रही हैं  |   इलाका घोर नक्सल प्रभावित  हैं   | इसके बावजूद पुरूष जवानों के साथ 60 महिला कमांडोज ने मोर्चा संभाल रखा है |पहले दिन कैंप घेरने पहुंचे हजारों ग्रामीणों को इन जवानों ने पीछे धकेला और  जवान गांव के घर-घर पंहुंच कर महिला और पुरूषों से समन्वय स्थापित कर नक्सलवाद  से दूर रहने की सलाह दे रही हैं  | बीमार ग्रामीणों को दवा और सेवा भी कर रही हैं  |  इन  60 महिला कमांडोज में 20 आत्मसमर्पित नक्सल कैडर की महिलाएं हैं | जबकि 20 नक्सल पीड़ित परिवार और शेष 20 सामान्य स्थानीय युवतियां हैं  |  जो हर मोर्चे पर नक्सलियों को चुनौती देते डटी हैं  |  एसपी डॉ अभिषेक पल्लव ने बताया कि इन कमांडोज को आधुनिक हथियार चलाने से लेकर जूडो- कराते तक की ट्रेनिंग दी गई है  |  ये कमांडोज  स्थानीय बोली, भाषा और भौगोलिक जानकारी होने से ग्रामीणों से ज्यादा घुलमिलकर जनहित में जुट जाती हैं  |  साथ ही ग्रामीणों को दवाइयां व भोजन आदि सामग्री भी उपलब्ध करवाने में मदद करती है  | 

 

MadhyaBharat 18 November 2019

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 4978
  • Last 7 days : 31906
  • Last 30 days : 151660


All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.