Since: 23-09-2009

  Latest News :
योगी ने दिए सभी विधायकों को निर्देश.   जूं मारने की दवा से कोरोना का इलाज.   देश में बन रहा कोरोना का टीका.   पीएम मोदी ने की दीपक मोमबत्ती जलाने की अपील.   दिल्ली का शाहीन बाग खाली.   भारत की कोशिशों को WHO ने सराहा.   सुबह 8 से शाम 4 बजे तक खुलेंगी दुकाने.   सड़क पर घूम रहे व्यक्ति की पुलिस ने की पिटाई.   कंपनी में चायनीज व्यक्ति को लेकर प्रशासन अलर्ट.   कलेक्टर ने किया क्वारंटाइन सेंटर्स का निरीक्षण.   लॉक डाउन तोड़ने वालों को पुलिस की समझाइस.   मुरैना में 12 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए.   बच्चे कर रहे हैं बड़ों को जागरूक.   आदिवासियों ने बनाया अपना देसी मास्क.   लॉकडाउन में भूपेश सरकार ने लिए बड़े फैसले.   मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शहीदों को दी.   सुकमा में नक्सली मुठभेड़ 17 जवान शहीद.   छत्तीसगढ़ में मिला कोरोना का पहला पॉजिटिव केस .  
जर्जर भवन में गढ़ता कल का भविष्य

उद्योगपति मुख्यमंत्री को नहीं परवाह

 

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की पहचान उद्योगपति के रूप में तो थी |  मगर उन्हें चिंता थी मध्यप्रदेश की पहचान की |  तो उन्होंने आइफा करवाने का निर्णय लिया   | मुख्यमंत्री कमलनाथ के इस निर्णय से प्रदेश को पहचान मिलेगी या नहीं ये बाद का विषय हैं  | अभी तो खुद कमलनाथ जी दो चीजों से पहचाने जाने लगे हैं  .| एक उद्योगपति मुख्यमंत्री की दूसरी आईफा वाले मुख्यमंत्री जी   | मगर अब जनता इंतजार कर रही हैं  |  अपने प्रदेश के मुख्यमंत्री के आसमान से नीचे आने का  | क्यूंकि मध्यप्रदेश का भविष्य यानि स्कूल में पढ़ने वाले नन्हे बच्चे रोज अपनी जान पर खेल कर   | जर्जर भवन में पढ़ने को मजबूर हैं  | 

मुख्यमंत्री कमलनाथ जी  | जरा फ़िल्मी सितारों की चकाचौंध से बाहर आकर अपने प्रदेश का अन्धकार भी देखिये  | देखिये की कैसे जर्जर भवन में आपके प्रदेश का  |  कल का भविष्य गढ़ रहा हैं  |  ये बच्चे जानते हैं की पढ़ेंगे नहीं तो भविष्य खराब हो जाएगा  | इसलिए आपके राज में अपनी जान पर खेल कर मज़बूरी में  इस जर-जर भवन में पढ़ रहे हैं  |  जो कभी भी इनके ऊपर गिर सकता हैं  | ये जो तस्वीरें आप देख रहे हैं |  यह आप ही के राज की हैं    शासकीय माध्यमिक शाला बीना में जर्जर भवन की है   | बच्चों के साथ जर्जर भवन में कभी भी कोई भी घटना घटित हो सकती है  | मगर फ़िक्र किसको हैं  | ये तो सिर्फ शिकायत कर सकते हैं तो  |  बीआरसी और  उच्च अधिकारियों को शिकायत भी की   |  मगर उन्हें भी क्या  |  उनके बच्चे भी नहीं पढ़ते इस स्कूल में भवन गिरे तो गिरे क्या फर्क पड़ता हैं  शिक्षा विभाग ने मौन धारण कर रखा हैं  | और चुनाव जीतने के बाद तो जनप्रतिनिधि कुंभकरण की नींद सो ही जाते हैं  | 

देवरी कला देवरी से लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित  ग्राम पंचायत बीना के शासकीय माध्यमिक शाला मैं जर्जर भवन में संचालित किया जा रहा है    कभी भी ये भवन भरभरा  के गिर सकता हैं  | मुख्यमंत्री जी आपको जान कर ख़ुशी होगी की  |  आपके प्रदेश के बीना शासकीय माध्यमिक शाला में पढ़ने वाले बच्चे अपने भविष्य को लेकर बेहद जागरूक  हैं  |  लगभग  165 संख्या में उपस्थित दर्ज होती है |  यहां की शिक्षा व्यवस्था तो ठीक-ठाक है | बच्चों को पढ़ना पसंद हैं और शिक्षकों को पढ़ना भी पसंद हैं  | मगर सबकी चिंता एक ही हैं की न जाने कब ये  जर्जर भवन काल साबित हो जाए  | तस्वीरें झूठ नहीं बोलती  | पूरी तरह से विद्यालय जर्जर स्थिति में है |  कभी भी बिल्डिंग की  छत का हिस्सा बच्चों को अपना शिकार बना सकता है   | शिक्षक मजबूर हैं |  शासकीय माध्यमिक शाला के जर्जर भवन में बच्चों को शिक्षा दे रहे हैं  | उनका काम शिक्षा देना हैं जो वो पूरी ईमानदारी से कर रहे हैं  |  वो अपना काम न करे तो  |  बच्चे शिक्षा से वंचित रह जाएंगे  |  मगर शासन प्रशासन और शिक्षा विभाग शायद किसी बड़ी घटना घटने   का इंतजार कर रहा हैं  |  तो मुख्यमंत्री कमलनाथ जी देखा आपने  |  की आपके प्रदेश का भविष्य किन हालातों में पल रहा हैं  | बेहतर हो की जनता के टैक्स का पैसा सही जगह उपयोग हो  |  मुख्यमंत्री जी आप प्रदेश की पहचान बने इसलिए ही तो आपको मुख्यमंत्री बनाया था  | मगर आपकी पहचान आइफा वाली होने की जगह |  उच्च दर्जे की शिक्षा वाले मुख्यमंत्री  | बेहतर रोजगारवाले मुख्यमंत्री   |  खुशहाल किसान वाले मुख्यमंत्री |  सुरक्षित महिला वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री  |  वाली बनती तो जनता आपको सर आँखों पर बिठा कर रखती   | जरा सोचिये की क्या आइफा आपकी सही पहचान बना पायेगा  | 

 

MadhyaBharat 25 February 2020

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 3425
  • Last 7 days : 23380
  • Last 30 days : 91641


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.