Since: 23-09-2009

  Latest News :
ज्योतिरादित्य सिंधिया कोरोना से संक्रमित.   मालगाड़ी से कुचल कर 16 मजदूरों की मौत.   साद के खिलाफ गैरइरादतन हत्या का मामला.   कोरोना पर शिवपुरी की जिज्ञासा का गाना.   पीएम मोदी ने सर्वदलीय बैठक में दिए संकेत.   तब्लीगी जमात के लोगों ने फेंकी पेशाब भरी बोतलें.   मंत्रियों को विभाग का वितरण बुध को.   17 साल लम्बे जमीनी विवाद ने ली जान.   नरोत्तम मिश्रा :कमलनाथ और कांग्रेस झूठे हैं.   रामेश्वर शर्मा बने प्रोटेम स्पीकर.   7 व 8 जुलाई को हरदा टोटल लॉकडाउन.   भोलेनाथ के प्रिय दिन से सावन की शुरुआत.   मुनगा फली के पौधे रोपे गए.   केंद्र की मोदी सरकार का पुतला दहन.   सड़क हादसे में पति पत्नी की मौत.   सीएम बघेल से नहीं मिल पाया तो आग लगाई.   बस्तर के मोस्टवॉंटेड की सूचि.   आदिवासियों और पुलिस के बीच टकराव की स्थिती.  
लापरवाही से भीगा 20 हजार मीट्रिक टन गेहूं

नरोत्तम:किसानों का गीला गेहूं खरीदा जाएगा

 

मौसम विभाग की चेतावनी के  बावजूद प्रशासन समय रहते नहीं चेता  और  बारिश में 20 हजार मीट्रिक टन गेहूं भीग गया  | 29 हजार मीट्रिक टन गेहूं अब भी बाहर पड़ा हुआ है  | समय से परिवहन न होने के कारण यह स्थिति बनी |  गेहूं को ढंकने के लिए 35 खरीदी केंद्रों में तिरपाल की व्यवस्था नहीं की गई थी | दूसरी और सरकार के प्रवक्ता गृह और स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि अगर कहीं किसानों का गेहूं भीग गया है तो उसे भी खरीदा जाएगा | 

निसर्ग के चलते बारिश की चेतावनी के बाद प्रशासन ने कोई इंतजामात नहीं किये और 29 हजार मैट्रिक टन गेहूं पूरी तरह गीला हो गया  |  समय पर परिवहन न करने के लिए नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारियों को ट्रांसपोर्टरों पर पैनाल्टी लगाने के लिए कहा गया था  |  लेकिन अब तक कोई पैनाल्टी नहीं लग पाई और इन खरीदी केंद्रों में रखा गेहूं भीग गया  |  खरीदी केंद्रों में गेहूं न भीगे इसके लिए  भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के महाप्रबंधक और सहकारी संस्थाओं के उपायुक्त को आदेश जारी किया था  | लेकिन प्रशासन कोई इंतजाम नहीं कर पाया  |  सबसे ज्यादा गेहूं बैरसिया में भीगा है | 10 खरीदी केंद्रों में अब भी  दो हजार से ज्यादा  ट्रॉलियों में भरा गेहूं किसान लेकर खड़े हैं  | उपार्जन केंद्र समिति प्रभारियों ने बारिश के हाई अलर्ट के बाद भी गेहूं की बोरियों को भीगने से बचाने के लिए तिरपाल नहीं ढांका |  सहकारिता   विभागीय अधिकारियों ने सोसायटी संचालकों को गेहूं को भीगने से बचाने तिरपाल तथा खरीदी के लिए वॉटरप्रूव टेंट की व्यवस्था नहीं की |  इधर मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा निसर्ग के कारण आई बारिश प्राकृतिक आपदा है,इसके  लिए उचित व्यवस्था करेंगे  | किसानों को चिंता करने की आवश्यकता नहीं है, बारिश से गेहूं प्रभावित होता है तो भी खरीदा जाएगा दाम भी कम नहीं होंगे समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा | 

 

MadhyaBharat 6 June 2020

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 1520
  • Last 7 days : 5913
  • Last 30 days : 30393


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2020 MadhyaBharat News.