Since: 23-09-2009

  Latest News :
पीएम की अध्यक्षता में हुई गुरु तेग बहादुरजी की 400वीं जयंती की उच्च स्तरीय बैठक.   जालौर में कार और ट्रक की जोर दार भिड़ंत .   सीएम शिवराज सिंह ने नर्मदा सागर संगम पर किया पूजन.   सीएम शिवराज सिंह ने नर्मदा सागर संगम पर किया पूजन.   श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने दिया जवाब.   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा की टीएमसी को चेतावनी.   ज्योतिर्लिंग महाकाल के आंगन में अतिरुद्र अनुष्ठान.   कोरोना मरीजों के लिए 1 लाख बेड की व्यवस्था होगी.   दिग्विजय की कांग्रेस नेताओं को मास्क लगाने की नसीहत.   प्रशासन ने की लोगों से अपील.   प्रशासन ने की लोगों से अपील.   शुक्रवार शाम से सोमवार सुबह तक लॉकडाउन.   सिंहदेव :राष्ट्रीय औसत से ज्यादा हुआ छत्तीसगढ़ में टीकाकरण.   लॉकडाउन की घोषणा के बाद सुबह से सब्जी बाजार में उमड़ी भीड़.   बस्तर की धरती फिर रक्तरंजित.   5 किलो व 15 किलो के दो आईईडी बम बरामद.   छत्तीसग़ढ में लग सकता हैं लॉकडाउन.   छत्तीसग़ढ में लग सकता हैं लॉकडाउन.  
स्कूलों को दिए जाने बर्तन खरीदी में भ्रष्टाचार का मामला

सवा करोड़ रुपये का घोटाला ,मामले में  गोलमोल जवाब

 

राजनांदगांव में कोरोना काल के दौरान शिक्षा विभाग ने  करोड़ो के किचन डिवाइस  की खरीदी की  | और कई  प्रायमरी

और मिडिल स्कूल को  बांट दिए | अब बर्तनों की गुणवत्ता और वजन को लेकर शिक्षा विभाग पूरी तरह भ्र्ष्टाचार के मामले में घिरता  नजर आ रहा है | 

कोरोना काल मे जहां पूरे स्कूल बंद पड़े थे  वहीँ शिक्षा विभाग द्वारा एक करोड़ 78 लाख के किचन डिवाइस  , बर्तन , की खरीदी  महासमुंद  के एक बर्तन फैक्ट्री से की गई  |  इन बर्तनों को जिले के 1211 प्राइमरी और मिडिल स्कूलों को दिया गया  |  जहां बच्चों के लिए मध्यान भोजन बनाया जाता है |  

एक स्कूल में कुल 4 बर्तन दिए गए | और एक कुकर 7 लीटर का  लोकल मेड दिया गया |   बर्तनों का वजन एक स्कूल के दिये अनुसार 12 से 15 किलो तक ही आता है |  जबकि खुले बाजार में स्टील की कीमत 200 रुपये किलो बताई जा रही है |   बाज़ार की माने तो एक स्कूल में केवल 3700 रुपये के ही बर्तनों की सप्लाई की गई | जबकि 1211 स्कूल के लिए 1 करोड़ 78 लाख रुपये में प्रति स्कूल को करीब 14 सौ रुपयों के बर्तन दिए जाने थे  | मामले की पड़ताल की गईतो  छुरिया विकासखण्ड में स्कूलों के केवल कुकर का ही वितरण किया गया|  बाकी के बर्तन स्कूल में डंप कर रखें रहे  | मामला सामने आने के बाद  आनन-फानन में सप्लाई के 6 महीने बाद  बर्तन बाटे गए  | ब्लॉक शिक्षा अधिकारी का कहना था कि बर्तनों को बांटने के लिए  जिला शिक्षा

अधिकारी द्वारा मना किया गया था | 

पूरे  मामले में करीब सवा करोड़ रुपये का घोटाला देखने को मिल रहा  | मामले में जिला शिक्षा अधिकारी अब लीपापोती करते नजर आ रहे है |  जिला शिक्षा अधिकारी आबंटन कम बता रहे है, जबकि डीईओ द्वारा आदेश जारी |  किया गया है उसमें किचन डिवाइस रिफ्लेशमेंट का उल्लेख किया गया है  | 

 

MadhyaBharat 25 February 2021

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2021 MadhyaBharat News.