Since: 23-09-2009

  Latest News :
UP के गाजीपुर में नाविक को गंगा किनारे मिला लकड़ी का बॉक्स.   Paytm ग्राहकों के लिए एक शानदार ऑफर .   सड़क किनारे एक खड़ी कार 40 फीट गहरे गड्ढे में समाई .   यूपी के प्रतापगढ़ में कोरोना माता का मंदिर .   कोलकाता में पंजाब के दो मोस्ट वांटेड ढेर .   पूर्व सीएम कमल नाथ की तबियत बिगड़ी.   शिवराज :आत्मनिर्भर मप्र के लिए मंत्री समूह दें सुझाव.   सारंग : कांग्रेस ने अपने दलालों को रोजगार दिया .   हिन्दुओं की आस्था को दिग्विजय ,राहुल बदनाम करते है.   अतिक्रमण और अवैध वसूली में लिप्त रसूखदार.   जनसहयोग से मैहर सिविल अस्पताल हुआ आत्मनिर्भर .   मध्‍य प्रदेश कोरोना की तीसरी लहर से बचाना है.   इंटरनेट पोस्ट पर भड़के बीएसपी कर्मी.   नौ क्विंटल गांजा के साथ तस्कर गिरफ्तार .   शराबी पति के चलते महिला ने की आपने पांच बच्चों सहित खुदकुशी .   ऑपरेशन में देरी से मरीजों की स्थिति हुई गंभीर.   भूपेश बघेल ने सनकी कलेक्टर को हटाया.   पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह की CM भूपेश बघेल को चुनौती.  
पीएम मोदी को इंतजार कराने का विवाद गहराया
 Narendra Singh modi

3 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगी ममता बनर्जी

 

चक्रवाती तूफान यास से बंगाल में हुए नुकसान का आकलन करने को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से शुक्रवार को कोलकाता में बुलाई गई बैठक का विवाद गहराता जा रहा है। सबसे पहले तो पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव और ममता बनर्जी के खास माने जाने वाले अलापन बंद्दोपाध्याय बैठक में 30 मिनट देरी से पहुंचे। वहीं ममता बनर्जी भी राहत पैकेज के लिए ही पीएम से मिलीं। इसके बाद जहां केंद्र सरकार ने अलापन पर कार्रवाई की है, वहीं ममता के बर्ताव के लिए केंद्रीय मंत्रियों व भाजपा नेताओं ने उनकी कड़ी आलोचना की है। पूरे देश में ममता बनर्जी की किरकिरी हो रही है।  लेकिन 24 मई को ही ममता सरकार ने तीन महीने के लिए उनका कार्यकाल बढ़ा दिया था। उन्हें 31 मई की सुबह 10 बजे से पहले रिपोर्ट करना है। केंद्र सरकार ने बंगाल सरकार से उन्हें जल्द से जल्द रिलीव करने का अनुरोध किया है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को ही अलापन को सीधा  विकास प्राधिकरण के प्रमुख की जिम्मेदारी सौंपी थी।जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बंगाल की जनता के साथ इतनी मजबूती से खड़े हैं तो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी जनता की भलाई के लिए अपने अभिमान को दूर रखना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुलाई गई बैठक में उनकी गैरमौजूदगी संवैधानिक नैतिक मूल्य व संघीय ढांचे में सहयोग की भावना की हत्या है। ममता की ओछी राजनीति बंगाल की जनता को फिर से भयभीत करने लगी है। 

MadhyaBharat 29 May 2021

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2021 MadhyaBharat News.