Since: 23-09-2009

  Latest News :
गायक पंकज उधास का निधन.   जेपी नड्डा ने \'विकसित भारत, मोदी की गारंटी\' रथ को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना.   देश में स्थिर सरकार का असर कपड़ा उद्योग क्षेत्र में भी नजर आया: प्रधानमंत्री .   प्रधानमंत्री मोदी ने सबसे लंबा केबल ब्रिज `सुदर्शन सेतु\' देश को समर्पित किया.   बगैर लोको पायलट पटरी पर दौड़ी मालगाड़ी.   ‘मन की बात’ पर तीन महीने का विराम.   इंदौर रोड पर बस-डंपर से टकराई.   कूनो में सफल हुआ है चीतों का पुनर्स्थापन: केंद्रीय मंत्री.   गिट्टी से भरे तेज रफ्तार डंपर ने दो बाइक सवार युवकों को मारी टक्कर.   मप्र के 33 रेलवे स्टेशनों का होगा पुनर्विकास प्रधानमंत्री मोदी ने किया शिलान्यास.   लोकसभा चुनाव में मतदाता लोकतंत्र का भविष्य तय करेंगे: केंद्रीय गृह मंत्री शाह.   कार्यकर्ता हर बूथ पर नरेन्द्र मोदी बनकर खड़ा हो और पार्टी जिताने का संकल्प लें: अमित शाह.   मीसाबंदियों की सम्मान निधि फिर शुरू होगी- मुख्यमंत्री साय.   एक शैक्षणिक सत्र में दो बार होगी बोर्ड की परीक्षाएं, आदेश जारी.   सदन में उठा कवर्धा दोहरे हत्याकांड का मामला विपक्ष ने कहा कानून व्यवस्था गंभीर.   बड़े भाई ने छोटे भाई की गोली मार कर की हत्या.   नवविवाहिता की आग से जलकर मौत.   एंटी करप्शन ब्यूरो के 9 अफसरों ने आबकारी अधिकारी के सरकारी आवास में मारी रेड.  

सुकमा News


sukma, Rewarded Naxalite, surrenders

सुकमा। जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान पूना नर्कोम अभियान (नई सुबह, नई शुरुआत) के तहत नक्सलियों की बटालियन नंबर-01 कंपनी नंबर-02 का साक्रिय कमांडर आठ लाख रुपये का इनामी नक्सली नागेश उर्फ पेड़कम एर्रा ने सोमवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एसपी किरण चव्हाण, डीएसपी उत्तम प्रताप, निशांत पाठक के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। आत्मसमर्पित नक्सली संगठन की बटालियन नंबर 01 कंपनी की नंबर 02 में सक्रिय था। ताड़मेटला समेत करीब 10 बड़ी नक्सली वादातों में शामिल था। उल्लेखनीय है कि ताड़मेटला घटना में 76 जवान बलिदान हुए थे। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आत्मसमर्पित नक्सली कमांडऱ नागेश उर्फ पेड़कम एर्रा वर्ष 2003 से 2004 तक पालाचलमा एलओएस सदस्य, वर्ष 2005 से 2008 तक पालाचमा एलजीएस सदस्य (स्व. रामन्ना के डीकेएसजेडसी का गार्ड), वर्ष 2009 से 2011 तक बटालियन नं. 01 कम्पनी नम्बर 02 सेक्शन कमाण्डर (पीपीसीएम)के पद पर सक्रिय रहा। वर्ष 2012 में एक वर्ष तक बटालियन 02, प्लाटून 02 का डिप्टी कमाण्डर (पीपीसीएम) के पद पर सक्रिय रहा। वर्ष 2013 से 2014 माह अप्रैल तक कम्पनी नम्बर 02 का डिप्टी कमाण्डर (सीवायपीसी) रहा । वर्ष 2015 से 2019 तक पीएलजी बटालियन 01, कम्पनी 02 का कमाण्डर (सीवायपीसी) के पद पर रहा है।   आत्मसमर्पित नक्सली कमांडर नागेश उर्फ पेड़कम एर्रा दस बड़ी नक्सली वारदातों में शामिल रहा, जिसमें वर्ष 2004 में गोलापल्ली और मराईगुड़ा के बीच मुख्यमार्ग को अलग-अलग 10-15 स्थानों में खोदकर रोड अवरोध करने की घटना में शामिल था। वर्ष 2010 में मुकरम और ताड़मेटला के बीच बीमार गुब्बल नामक टेकरी में एम्बुश लगाकर फायरिंग करने की घटना में शामिल था, इस मुठभेड़ में सीआरपीएफ के 76 जवान शहीद हुए एवं हमारे 12 साथी घायल हुए। वर्ष 2011-12 में ग्राम तिम्मापुरम के जंगल में हुए पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शामिल था, इस मुठभेड़ में पुलिस के दो जवान बलिदान तथा आठ पुलिस जवान घायल हुए। वर्ष 2013-14 में टीसीओसी अभियान के दौरान ग्राम टेटेमड़गू और पालोड़ी के बीच जंगल में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शामिल था। वर्ष 2014 में टीसीओसी अभियान के दौरान ग्राम पिड़मेल और एंटापाड़ के बीच जंगल में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शामिल था, उक्त मुठभेड़ में पुलिस के लगभग 06-07 जवान बलिदान हुए।   वर्ष 2015-16 में टीसीओसी अभियान के दौरान ग्राम पोटकपल्ली और डब्बामरका के बीच जंगल में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शामिल था, इस मुठभेड़ में हमारे लगभग 14 साथी घायल हुए। वर्ष 2017 में टीसीओसी अभियान के दौरान ग्राम कोत्ताचेरू और भेज्जी के बीच जंगल में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शामिल था, उक्त मुठभेड़ में पुलिस के 12 जवान बलिदान हुए एवं दो जवान घायल हुए। वर्ष 2017 में टीसीओसी अभियान के दौरान ग्राम बुर्कापाल के बीच जंगल में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शामिल था, उक्त मुठभेड़ में पुलिस के 25 जवान बलिदान हुए थे एवं तीन नक्सली मारे गये एवं दो घायल हुए थे तथा पुलिस के लगभग 18 हथियार लूटने में सफलता मिली थी। वर्ष 2017 में ग्राम टोण्डामरका पुलिस नक्सली मुठभेड़ में शामिल था, उक्त मुठभेड़ में पुलिस के 07-08 जवान घायल हुए थे एवं हमारा एक नक्सली साथी मारा गया। वर्ष 2018-19 में ग्राम दारेली और इत्तागुड़ा के बीच जंगल में पुलिस नक्सली मुठभेड़ में शामिल था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 February 2024

sukma, Police encounter, Naxalites

सुकमा/रायपुर। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के बुर्कालंका में शनिवार सुबह पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में एक नक्सली मारा गया। बताया जा रहा है कि नक्सली का शव बरामद कर लिया गया है। मुठभेड़ के बाद इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। सुकमा एसपी किरण चव्हाण ने मुठभेड़ की पुष्टि की है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बुर्कालंका में कोंटा एरिया कमेटी के नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना पुलिस को मिली थी। ऑपरेशन के लिए डीआरजी जवानों को एक दिन पहले ही चिन्हित जगह के लिये रवाना किया गया। शनिवार सुबह करीब 5 बजे जवान बतायी गई जगह पर पहुंच कर नक्सलियों पर धावा बोल दिया। मुठभेड़ में एक नक्सली मारा गया। हालांकि, मारे गए नक्सली की शिनाख्त नहीं हुई है। मौके से नक्सल सामग्री व कुछ विस्फोटक पदार्थ बरामद होने की जानकारी मिली है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 February 2024

sukma, Naxalites killed ,two villagers

सुकमा। नक्सलियों के पामेड़ एरिया कमेटी ने शुक्रवार को प्रेस वक्तव्य जारी कर यह घोषणा किया कि पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी ने पुलिस मुखबिरी के शक में दो ग्रामीणों सोढ़ी उंगा और माड़वी नंदा की हत्या कर दी है। इसके साथ ही दो अन्य ग्रामीणों युवक अड़मा और देवे को भी जान से मारने की धमकी दी गई है। नक्सलियों के द्वारा जारी प्रेस वक्तव्य के बाद पुलिस ग्रामीणों की मौत की जांच कर रही है। मिली जानकारी के अनुसार सोड़ी हूंगा और माड़वी नंदा रविवार को तेलंगाना जाने के लिए अपने घर से निकले थे। इसी बीच रास्ते से ही नक्सलियों ने दोनों का अपहरण कर लिया और हत्या कर आज शुक्रवार सुबह एलमागुंडा नया पारा के कायर दुलेड़ जाने वाले मार्ग पर शव फेंक दिया है। नक्सलियों द्वारा जारी प्रेस वक्तव्य में लिखा है कि सुकमा-बीजापुर के सीमा पर स्थित कायर दुल्लेड़ गांव में पुलिस कैंप स्थापित कर ग्रामीणों को परेशान किया जा रहा है। इसी गांव के रहने वाले 02 युवक सोढ़ी उंगा और माड़वी नंदा भी पुलिस के मुखबिर बनकर काम कर रहे थे। ग्रामीणों को पिटवाने, मुर्गी-मछली पुलिस वालों को देने, कैंप से सीधा संपर्क रखने और उन्हें समाचार पहुंचाने का काम करते थे। इन्हें पहले भी समझाइश दी गई थी, नहीं माने, इसलिए पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी ने मौत की सजा दी है। नक्सलियों द्वारा जारी प्रेस वक्तव्य में कहा गया है कि इसी गांव के अन्य दो और युवक अड़मा और देवे यह दोनों भी पुलिस का साथ दे रहे हैं, सुधर जाएं, नहीं तो इनका अंजाम भी इन दो युवकों की तरह ही होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 February 2024

sukma,Security forces , Naxalite commander

सुकमा। जिले के ग्राम पुवर्ती में 25 लाख का इनामी नक्सली कमांडर हिड़मा की मां से सुरक्षाबलों के अधिकारियों ने आज रविवार को उसके घर जाकर मुलाकात की है। जवानों ने नक्सली कमांडर हिड़मा की मां को तमाम बुनियादी सुविधाएं पहुंचाने का आश्वासन भी दिया है।   नक्सलियों का हेड क्वार्टर होने की वजह से यहां रहने वाले ग्रामीण पूवर्ती गांव को छोड़कर लोग जंगल की तरफ भाग गए थे। उन सभी से सुरक्षाबलों ने गांव लौटने की अपील की है। इसके साथ ही ग्रामीणों को पूरी तरह से सुरक्षा देने का आश्वासन भी दिया गया है। नक्सलियों का हेड क्वार्टर पुवर्ती अब पूरी तरह से जवानों के कब्जे में है। इस दौरान सीआरपीएफ कमांडेंट एसपी किरण चव्हाण और कोबरा कमांडेंट उपेंद्र सहित अन्य मौजूद रहे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 February 2024

sukma, Naxalites killed, rural youth

सुकमा। जिले के भेज्जी थाना क्षेत्र में नक्सलियों ने पुलिस की मुखबिरी करने का आरोप लगाकर एक ग्रामीण युवक पोडियम जोगा का गला रेतकर हत्या कर शव को सड़क पर फेंक दिया। स्थानीय लोगों ने युवक पोडियम जोगा का शव आज बुधवार सुबह देखा। नक्सलियों के कोंटा एरिया कमेटी ने शव के पास पर्चे भी फेंके हैं, जिसमें पुलिस का मुखबिर होने का आरोप लगाया है।   प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक युवक पोड़ियम जोगा नक्सल प्रभावित ग्राम पालामंडगु का रहने वाला था। बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने इसे एक दिन पहले मंगलवार को गांव से अपहरण कर लिया था। जिसके बाद इसे जंगल में लेकर गए, फिर पहले इसकी पिटाई की और बाद में पुलिस का मुखबिर होने का आरोप लगाकर गला रेत दिया। वारदात के बाद नक्सलियों ने शव को सड़क पर लाकर फेंक दिया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 February 2024

sukma, Naxalites released,Sukma district

सुकमा/रायपुर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में जगरगुंडा थाना क्षेत्र से अगवा किए गए 4 लोगों को नक्सलियों ने रिहा कर दिया है।अगवा एक ग्रामीण ने अपने पिता को दूसरे नंबर से फोन कर अपने पिता से की बात कर कहा कि मैं सुरक्षित हूं, आ रहा हूं।   उल्लेखनीय है कि बीते 11 जनवरी को बीजापुर और सुकमा का सरहदी इलाका के जगरगुंडा थानाक्षेत्र के सिंगराम गांव से नक्सली ,नल जल मिशन योजना के तहत कार्य कर रहे गांव से 4 लोगों को अगवा कर अपने साथ ले गए थे। इनमें से तीन मजदूर थे और एक ठेकेदार था।नक्सली ठेकेदार की जेसीबी भी साथ ले गए थे। जिस गांव से चारों को अगवा किया गया था वह घोर नक्सली प्रभावित क्षेत्र है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 February 2024

raipur, Sukma, 3 soldiers sacrificed

बीजापुर/सुकमा/रायपुर। बीजापुर-सुकमा सीमा पर जोनागुड़ा और अलीगुड़ा के पास मंगलवार को नक्सलियों के हमले में तीन सुरक्षा जवान बलिदान हो गए। गोलीबारी में घायल 14 जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज सुन्दरराज पी. ने मुठभेड़ की पुष्टि की है। मंगलवार को जिस इलाके में नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर हमला किया, वहां 2021 में 23 जवानों की जान गई थी। सुकमा व बीजापुर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र टेकलगुड़ेम गांव में (थाना जगरगुण्डा, जिला सुकमा) नक्सल गतिविधि पर अंकुश लगाने के लक्ष्य के साथ मंगलवार को ही यहां सुरक्षा कैंप स्थापित किया गया है। यहां से आज दोपहर कोबरा, एसटीएफ व डीआरजी के जवान जोनागुड़ा-अलीगुड़ा क्षेत्र में सर्चिंग के लिए निकले थे। इसी दौरान नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षा बलों की जवाबी फायरिंग में नक्सली भाग खड़े हुए। पुलिस सूत्रों के मुताबिक हमले में 3 जवानों के बलिदान होने की खबर है। मुठभेड़ में 14 जवान घायल हुए हैं। गंभीर रूप से घायल जवानों को रायपुर भेजे जाने की तैयारी है। पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज सुन्दरराज पी. के मुताबिक क्षेत्र की जनता को नक्सल समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए बस्तर पुलिस एवं तैनात सुरक्षा बल संकल्पित है। वर्ष 2021 में टेकलगुड़ेम मुठभेड़ में हमें भारी क्षति पहुंचने के बावजूद जनहित में विचार करते हुए आज दोबारा मजबूती से टेकलगुड़ेम गांव में कैम्प स्थापित कर क्षेत्र की शांति, सुरक्षा एवं विकास हेतु समर्पित होकर कार्य करेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 January 2024

sukma, Soldiers demolished ,Naxalite camp

सुकमा। जिले के नक्सल प्रभावित इलाकों में नक्सलियों के खिलाफ जवानों का गहन सर्चिंग अभियान लगातार जारी है। इसी दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि बुर्कलंका इलाके में कोंटा व किस्टाराम एरिया कमेटी के कई बड़े नक्सलियों की मौजूदगी है। सूचना पर डीआरजी व कोबरा 207 बीएन के जवान बुर्कलंका इलाके में सर्चिंग पर निकले थे।   रविवार को सर्चिंग के दौरान जवानों को अपनी ओर आते हुए देखकर नक्सली कैंप छोड़कर भाग खड़े हुए, मौके पर जवानों को नक्सलियों द्वारा बनाए गए कैंप मिले। जवानों ने नक्सलियों के कैंप से बड़ी मात्रा में सामग्री बरामद किया है। जवानों ने कैंप से मिले सामान को नष्ट कर दिया और इसके बाद कैंप को भी ध्वस्त कर दिया है। एसपी किरण चव्हाण ने रविवार को इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि कैंप ध्वस्त करने के बाद सभी जवान सुरक्षित कैंप वापस पहुंच गये हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 January 2024

sukma, Kawasi Lakhma , sixth time

सुकमा। जिले के कोंटा विधानसभा क्रमांक 90 से कांग्रेस के वर्तमान आबकारी मंत्री कवासी लखमा छठवी बार मात्र 1981 मतों के अंतर से चुनाव जीत गये हैं। कोंटा विधानसभा सीट को कांग्रेस का अभेद गढ़ माना जाता है, कड़े त्रिकोणिय मुकाबले में एक बार फिर से कवासी लखमा चुनाव जीत कर कांग्रेस के अभेद गढ़ को एक बार फिर से बचाने में कामयाब हो गये हैं। कवासी लखमा अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के प्रत्याशी सोयम मुक्का को 1981 मतों के अंतर से पराजित किया है। कवासी लखमा को कुल 32776 मत प्राप्त हुए वही भाजपा के प्रत्याशी सोयम मुक्का को 30795 मत प्राप्त हुए जबकि तीसरे नंबर पर रहे कम्युनिस्ट पार्टी के निर्दलीय प्रत्याशी मनीष कुंजाम को 29040 मत प्राप्त हुए हैं।     उल्लेखनीय है कि वार्ड पंच के बाद कवासी लखमा वर्ष 1991 में सोना कूकानार के सरपंच चुने गए। इसके बाद कवासी लखमा वर्ष1998 में पहली बार कांग्रेस की टिकट से चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे। उसके बाद कवासी लखमा का चुनाव जीतने का सिलसिला लगातार जारी है, वे छंठवी बार विधायक बनने में सफल रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 December 2023

sukma,   Naxalites

सुकमा। विधानसभा चुनाव के लिए कोंटा विधानसभा के कुल 233 मतदान केंद्रों में से अतिसंवेदनशील इलाकों के 36 मतदान केंद्र को सुरक्षा कारणों से नजदीकी थाना व कैंप के आस-पास स्थांतरित किए गए थे। जिसमें नक्सलियों के चुनाव बहिष्कार का असर दिखा।     बस्तर संभाग के सबसे अधिक नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में नक्सलियों के आधार क्षेत्र का दायरा 36 मतदान केंद्रों तक सिमट कर रह गया है। स्थांतरित किए गए 36 मतदान केंद्रों में इस बार औसत 21.57 प्रतिशत मतदान हुआ, इसमें से 07 केंद्र ऐसे थे, जिनमें मतदान 01 प्रतिशत से भी कम मतदान हुआ। इनमें उरसांगल में 02 , सुरर्पनगुड़ा में 03, चिमलीपेंटा में 04, बैरपल्ली में 05, मोड़ी में 05, कामाराम में 03 एवं एलमपल्ली में 03 वोट पड़े। 05 फीसदी से कम वोटिंग वाले मतदान केंद्र में, पूवर्ती में 10, मोरपल्ली में 47, गोगुंडा में 23, नागराम में 15, पामलूर-2 में 24, करीगुंडम में 39, पेंटापाड़ में 35 व गच्चनपल्ली मतदान केंद्र में 52 वोट डाले गए। 05 मतदान केंद्र में मतदान का प्रतिशत 05 से ज्यादा और 10 प्रतिशत के भीतर था। इनमें गोंडेराम मतदान केंद्र में 56, बगड़ेगुड़ा में 63, सिंगाराम में 66, दुरमा में 24 और मेहता मतदान केंद्र में 28 मतदाताओं ने अपने अधिकार का प्रयोग किया।                                                                  नक्सलियों के बड़े लीडर और नंबर कंपनी 01 के कमाडंर माने जाने वाले नक्सली हिड़मा के गांव पूवर्ती में भी मतदान हुआ है। नक्सलियों की ओर से चुनाव बहिष्कार का असर नक्सली कमांडर के गांव में तो दिखा, फिर भी यहां गिनती के लोगों ने ही मतदान किया। पूवर्ती गांव में कुल 649 मतदाता हैं, इनमें 353 पुरुष और 296 महिला मतदाता है। चूंकि नक्सलियों के नेता इसी गांव का रहने वाला है, ऐसे में यहां चुनाव बहिष्कार खासा असर देखने को मिला। फिर भी गांव के 05 पुरुषों और 05 महिलाओं ने मतदान किया, यहां मतदान का प्रतिशत 1.57 रहा। कोंटा विधानसभा के कुल 233 मतदान केंद्र में इस बार मतदान का प्रतिशत वर्ष 2018 की तुलना में 08 प्रतिशत ज्यादा मतदान हुआ। निर्वाचन आयोग से मिले आकड़ों के मुताबिक इस बार 63.14 प्रतिशत मतदान हुआ, वर्ष 2018 में मतदान का प्रतिशत 55.30 था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 November 2023

sukma, IED blast ,youth injured

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में बुधवार सुबह नक्सलियों के आईईडी ब्लास्ट की चपेट में आकर युवक घायल हो गया है। घटना जिले के डब्बा-मरका इलाके में छोटे केड़वाल जाने वाले मार्ग पर हुई जहां नक्सलियों ने चुनाव के दौरान सुरक्षाबलों को निशाना बनाने के मकसद से आईईडी लगाई थी। पुलिस द्वारा जानकारी दी गई है कि घायल युवक को इलाज के लिए सुरक्षाबलों के कैम्प लाया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 November 2023

sukma, Encounters , Chhattisgarh

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में विधानसभा चुनाव के दौरान नक्सलियों ने अलग-अलग स्थानों में फायरिंग व आईईडी विस्फोट कर सुरक्षा बलों के जवानों एवं मतदान दलों को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की है। सुकमा जिले में दिनभर चार अलग-अलग मुठभेड़ हुई है, जिसमें पांच जवान घायल हो गए। पुलिस आधा दर्जन नक्सली मारे जाने का दावा कर रही है। बंडा मतदान केंद्र की करीब सुरक्षा बल के जवानों के साथ नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई, जिसमें करीब 10 मिनट तक दोनों ओर से गोलियां चली। सुरक्षा बल की जवाबी कार्रवाई में भारी पड़ता देख नक्सली पीछे हटे। बीजापुर जिले में पहले चरण का चुनाव के दौरान जिले के ग्राम पादेडा के दक्षिण में आज लगभग 1.30 बजे के आस-पास सीआरपीएफ 85 बटालियन के जवानों की नक्सलियों के साथ मुठभेड़ हुई है। मुठभेड़ में जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली जंगल की आड़ लेकर भागने में कामयाब रहे। मुठभेड़ लगभग 5-10 मिनट चली, जिसमें जवानों ने नक्सलियों को 2-3 शव उठाकर भागते हुए देखा। साथ ही घटना स्थल पर सर्चिंग के दौरान मौके पर खून के धब्बे एवं घसीटने के चिन्ह भी मिले हैं, मुठभेड़ में शामिल सभी जवान सुरक्षित हैं। तीसरी मुठभेड़ सुकमा जिले के ताड़मेटला और दुलेड के बीच सीआरपीएफ और नक्सलियों के बीच कोबरा 206 के जवानों के साथ हुई। मीनपा में पोलिंग पार्टी को सुरक्षा देने के लिए जंगलों मे जवान तैनात थे। इस दौरान नक्सलियों ने हमला शुरू किया, लगभग 20 मिनट तक मुठभेड़ चली। इसमें सीआरपीएफ के तीन जवान घायल हुए। एक को हेलीकॉप्टर से बेहतर इलाज के लिए रायपुर रेफर किया गया है। पुलिस भी आधा दर्जन नक्सली मारने का दावा कर रही है। कांकेर जिले के अंतर्गत आने वाले ग्राम उलिया में मंगलवार को शाम 4 बजे नक्सलियों और सुरक्षा बलों के बीच गोलीबारी हुई। आधे घंटे तक चली गोलीबारी में वहां पर भैंस चरा रहा एक ग्रामीण गोली लगने से घायल हो गया। घायल ग्रामीण के चिल्लाने के बाद उसकी आवाज सुनकर वहां से गुजर रहे भाजपा नेता रतन हलदर ने उसे बांदे समुदाय केंद्र में इलाज के लिए भर्ती कराया है, जहां पर उसका इलाज चल रहा है। नारायणपुर जिला के थाना ओरछा के तादुर के जंगल में एसटीएफ और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। एसटीएफ की जवाबी कार्रवाई के बाद नक्सली जंगल की आड़ लेकर भाग गए। सभी जवान सुरक्षित है। एरिया में सर्चिंग तेज कर दी गई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 November 2023

raipur, CRPF jawan injured , phase of voting

रायपुर/सुकमा। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के बीच सुकमा जिले की कोंट विधानसभा क्षेत्र में नक्सलियों की तरफ से लगाए गए आईईडी की चपेट में आने से सीआरपीएफ जवान घायल हो गया जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पहले चरण में राज्य की 20 सीटों पर मतदान हो रहे हैं जिनमें 10 सीटों पर सुबह 7 बजे और 10 सीटों पर सुबह 8 बजे मतदान शुरू हो चुका है। मतदान बहिष्कार और नक्सली खतरों को देखते हुए सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं। एसपी किरण चव्हाण के अनुसार मंगलवार सुबह मतदान की सुरक्षा के लिए कोबरा 206 एवं सीआरपीएफ के जवान कैंप तोंडामारका से एरिया डॉमिनेशन अभियान में एल्मागुंडा गांव की ओर निकले थे। गश्त के दौरान कोबरा 206 के जवान निरीक्षक श्रीकांत का पैर नक्सलियों द्वारा लगाए गए आईईडी पर पड़ने से धमाका हुआ। घायल जवान का प्राथमिक उपचार किया जा रहा है और उसकी हालत खतरे से बाहर है। उधर, 90 विधानसभा सीटों वाले छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए प्रथम चरण में 20 सीटों पर मतदान शुरू हो चुका है। इन 20 सीटों पर 223 उम्मीदवार मैदान में हैं और 40,78,681 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। अत्यंत संवेदनशील बस्तर संभाग सहित मतदान वाली सभी 20 सीटों पर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। जिनमें एक लाख सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है। 17 नवंबर को दूसरे चरण में बाकी 70 सीटों पर मतदान होंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 November 2023

sukma, Congress , Yogi Adityanath

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा में रविवार को पहले चरण के विधानसभा चुनाव प्रचार के अंतिम दिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुकमा में विशाल जनसभा को संबोधित किया। छत्तीसगढ़ में बीते दो दिनों से योगी आदित्यनाथ चुनाव प्रचार अभियान में है। रविवार को सुकमा जिला मुख्यालय में चुनावी सभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने देश में कई सालों तक राज किया, लेकिन वह कभी नहीं चाहती थी कि अयोध्या में राम मंदिर बने। भगवान राम के अस्तित्व पर ही सवाल खड़े करने का काम कांग्रेस पार्टी के द्वारा किया जाता था। उन्होंने कहा कि ऐसे कांग्रेस नेताओं से कैसे उम्मीद कर सकते हैं कि यह आपकी सम्मान की रक्षा कर सकेंगे। इनसे उम्मीद नहीं की जा सकती। जब उत्तर प्रदेश में डबल इंजन की सरकार बनने के बाद मुझे मुख्यमंत्री बनने अवसर मिला, और राम मंदिर बनने की शुरुआत हुई। आज राम मंदिर बनकर तैयार होने जा रहा है, जिसका शुभारंभ जनवरी में किया जाना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने साढ़े नौ साल में देश के अंदर राम राज्य की शिला रखी है। पीएम आवास योजना से देश के अंदर चार करोड लोगों को आवास दिया गया, 10 करोड़ गरीब परिवार लोगों को शौचालय दिया। स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ दिया गया, साथी उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस उपलब्ध कराई गई। उन्होंने कहा कि अगले 5 वर्षों में 80 करोड लोगों को फ्री में राशन की सुविधा का लाभ उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा जो कोई नहीं कर पाया वह मोदी ने करके दिखाया है। योगी ने कहा कि छत्तीसगढ़ प्राकृतिक खनिज संपदाओं से संपन्न राज्य है। इन संसाधनों पर जिन लोग की निगाहें हैं, वह यहां पर माफिया राज, नक्सलवाद को बढ़ावा देकर यहां के सामाजिक ताने-बाने को छिन्न भिन्न करने का काम कर रहे हैं। यहां के वनवासियों व आदिवासियों के बीच अविश्वास की स्थितियां पैदा कर रहे हैं। इसके साथ कांग्रेस सरकार लव जिहाद व धर्मांतरण के मुद्दे को लेकर शांत है, सरकार उल्टे इनसे जुड़े लोगों को संरक्षण देने का काम कर रही है। कांग्रेस अपने आप में एक समस्या बन चुकी है, आप लोग जितनी जल्दी मुक्ति पाएंगे इससे छत्तीसगढ़ के विकास को साकार करने में नई उम्मीद मिलेगी। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सरकार बनेगी तो छत्तीसगढ़ के संकल्प पत्र के सभी वादों को पूरा किया जाएगा। उन्होंने भाजपा के पक्ष में मतदान कर कोन्टा विधानसभा उम्मीदवार जीत के साथ छत्तीसगढ़ में सरकार बनाने की अपील मतदाताओं से की।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 November 2023

raipur, Explosion , planting IED

रायपुर/सुकमा/ कांकेर। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में रविवार को आईईडी प्लांट करते वक्त उसमें विस्फोट होने से एक नक्सली की मौत हो गई। वहीं, राज्य के कांकेर जिले के अंतागढ़ इलाके में सुबह सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। इस दौरान जवानों ने नक्सलियों के एक कैंप को ध्वस्त कर दिया। इस मुठभेड़ में कुछ नक्सलियों के घायल होने की भी खबर है। अधिकारियों के मुताबिक सुकमा जिले के मुकरम और मर्कागुड़ा के बीच नक्सलियों द्वारा आईईडी प्लांट करते वक्त हुए विस्फोट में एक नक्सली की मौत हो गई। इस मामले में विस्तृत विवरण की प्रतीक्षा है। वहीं, राज्य के कांकेर जिले के पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल ने जिले में मुठभेड़ होने की पुष्टि की है। पुलिस अधीक्षक के मुताबिक डीआरजी और बीएसएफ की संयुक्त टीम तड़के सुबह अंतागढ़ इलाके में सर्चिंग पर निकली थी। इसी दौरान जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई। जवानों का दावा है कि इस मुठभेड़ में गोली लगने से कई नक्सली घायल हो गए।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 November 2023

sukma, Five accused arrested ,Naxalite material

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के जगरगुण्डा थाना क्षेत्र में सुरक्षा बलों की संयुक्त टीम ने पांच नक्सलियों को जंगल से गिरफ्तार किया। जिनके पास से नक्सली सामग्री बरामद हुई है, पुलिस ने सभी आरोपितों को गिरफ्तार का जेल भेज दिया गया है। रविवार की देर शाम को पुलिस ने बताया कि जिले के जगरगुण्डा थान क्षेत्र में बेदरे कैम्प से जिला बल एवं 201 वाहिनी कोबरा की संयुक्त पार्टी एरिया डोमिनेशन हेतु ग्राम दूरनदरभा व मिसीगुड़ा के आस-पास क्षेत्र की ओर रवाना हुए थे, अभियान के दौरान ग्राम दूरनदरभा के पास जंगल में कुछ संदिग्ध व्यक्ति पुलिस पार्टी को अपने ओर आते देख कर भागने लगे, जिन्हे पुलिस ने घेराबंदी कर पकड़ा। पकड़े गये व्यक्तियों से पूछताछ करने पर अपना नाम तामू भीमा (44), ओयाम जोगा (28), अवलाम पाण्डू (53) , पूनेम सन्नू (24 ) और तामू आकाश (18) सभी निवासी ग्राम बेदरे थाना जगरगुण्डा जिला सुकमा का होना बताये तथा पुलिस को देखकर भागने का कारण पूछने पर संतोष जनक जवाब नहीं दिया गया। पकड़े गये व्यक्तियों के अलग-अलग थैलां व बोरियों की चेकिंग करने पर कुल 180 नग लकड़ी से बना नुकीला - सूजानुमा (स्पाईक), 02 नग सब्बल, 28 नग नक्सली पर्चा, नक्सली साहित्य व अन्य सामाग्री मिला। उक्त सामाग्रियों के संबंध में कड़ाई से पूछताछ करने पर प्रतिबंधित नक्सली संगठन में सभी डीएकेएमएस सदस्य के पदों पर कार्य करना तथा बड़े नक्सली कमाण्डरों के कहने पर आगामी विधान सभा चुनाव के दौरान सुरक्षाबलों के आने-जाने वाले मार्गो पर मतदान दलो को क्षति पहुंचाने की नीयत से लगाने हेतु परिवहन करना बताए गए। जगरगुण्डा थाना में अपराध प्रकरण पंजीबद्ध कर अग्रिम वैधानिक कार्यवाही करते हुए, शनिवार को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश कर न्यायिक रिमाण्ड पर जेल भेजा गया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 October 2023

sukma, Manish Kunjam , AAP candidate

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के कोन्टा विधानसभा से सीपीआई उम्मीदवार मनीष कुंजाम अब निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ेंगे। क्योंकि सीपीआई को राष्ट्रीय पार्टी की मान्यता खत्म होने से चुनाव आयोग की प्रक्रिया पूरी नहीं करने की वजह से मनीष कुंजाम को इस बार निर्दलीय चुनाव लड़ना पड़ेगा। मनीष कुंजाम ने कहा कि चुनाव चिन्ह से कोई फर्क नहीं पड़ता है, जीत हमारी होगी। मनीष कुंजाम ने कहा हम लोगों से तकनीकी गलती हुई है। छत्तीसगढ़ में होने वाले प्रथम चरण में 11 उम्मीदवारों ने हमारी पार्टी से नामांकन दाखिल किए थे, किसी को भी पार्टी का चुनाव चिन्ह आवंटन नहीं होगा। सभी जगह से चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण में होने वाले चुनाव के लिए पार्टी का चुनाव चिन्ह आवंटित होगा। वही बता दें कि चुनाव के जानकारों की मानें तो मनीष कुंजाम पार्टी के बड़े लीडर उन्हें चुनाव चिन्ह से कोई ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा। वहीं निर्वाचन का संचालन नियम, 1961 कानूनी नियम और आदेश प्रारूप 4 नियम 8 के अनुसार विधिमान्यता: नाम निर्देशित अभ्यर्थियों की सूची में कोन्टा -90 निर्वाचन क्षेत्र में छत्तीसगढ़ विधानसभा सदस्य के लिए निर्वाचन अभ्यर्थियों की सूची में मनीष कुंजाम कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया के उम्मीदवार बताया जा रहा है, लेकिन 23 अक्टूबर को अंतिम सूची जिला निर्वाचन कार्यालय से जारी होगा। तब स्थिति स्पष्ट हो जाएगी कि उन्हें कौनसा चुनाव चिन्ह आवंटित होगा।   बी फार्म नहीं भरने से नामांकन हुआ निरस्त   आआपा उम्मीदवार के रूप में कवासी कुमार सुरेश का नामांकन निर्देशन पत्र जमा किए थे। आआपा के द्वारा अभी फॉर्म नहीं दिए जाने से कवासी कुमार सुरेश का नामांकन निर्देशन पत्र निरस्त हुआ। कवासी कुमार सुरेश ने बताया कि पार्टी की तरफ से नामांकन भरने के लिए निर्देश दिया गया था, जिसके बाद उन्होंने फॉर्म लेकर फॉर्म भरने की पूरी प्रक्रिया किया गया था और पार्टी की ही तरफ से कहा गया था एक-दो दिन के अंदर ही बी फार्म दे देने की बात कही गई थी, जिसके आधार पर हम लोग सारी तैयारी कर फॉर्म भर दिए। उन्होंने कहा कि अगर पार्टी की तरफ से फॉर्म मिलता तो नामांकन निरस्त नहीं होता। उन्होंने कहा कि इस चुनाव के लिए हमारे कार्यकर्ता पूरी तैयारी में जुटे हुए थे लेकिन अभी भी हम लोग हताश नहीं है, लेकिन हमारी पार्टी यहां चुनाव नहीं लड़ रही, इसलिए हमारे सभी कार्यकर्ता बस्तर संभाग के अन्य विधानसभा सीट में जाकर हमारे पार्टी प्रत्याशी के लिए चुनाव प्रचार की कमान संभालेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 October 2023

sukma, Police arrested, two Naxalite

सुकमा।छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के चिंतागुफा थाना क्षेत्रान्तर्गत से दो नक्सली सहयोगियों को विस्फोटक सामाग्रियों का परिवहन करते हुए पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार दोनों नक्सली सहयोगी चिंतागुफा थाना क्षेत्र के ग्राम दुलेड़ के निवासी है। कार्रवाई में जिला बल एवं 131, 226 वाहिनी सीआरपीएफ शामिल रही। विधानसभा चुनाव को लेकर पुलिस लगातार जगह-जगह पर कार्रवाई कर रही है। जिसके तहत हर आने जाने पर वाले लोगों पर नजर आ रही है ,जिसकी वजह से पुलिस को लगातार सफलता हाथ लग रही है। जिले के चिंतागुफा थाना क्षेत्रान्तर्गत कैम्प बुरकापाल से जिला बल एवं सीआरपीएफ की संयुक्त पार्टी दोरनापाल–जगरगुण्डा मुख्यमार्ग पर मोबाईल चेक पोस्ट ड्यूटी हेतु रवाना हुये थे।अभियान के दौरान कैम्प बुरकापाल के सामने मार्ग में आने-जाने वाले वाहनों की चेकिंग की कार्रवाई की जा रही थी। इसी दौरान दोरनापाल से चिंतलनार की ओर जा रही 01 पिकअप वाहन को रोका गया। जिसमें बैठे सवारियों के सामानों की चेकिंग करने हेतु वाहन से उतार रहे थे कि 02 व्यक्ति थैला पकड़े हुए वाहन से कूदकर भगने लगे, जिन्हे घेराबंदी कर पकड़ा गया। पकड़े गये व्यक्तियों से पूछताछ करने पर अपना नाम मड़कम नरेश पिता मड़कम आयता, उम्र 30 वर्ष, निवासी दुलेड़ पटेलपारा थाना चिंतागुफा जिला सुकमा व सुखराम यादव पिता लेखन यादव, उम्र 35 वर्ष निवासी दुलेड़ यादवपारा थाना चिंतागुफा जिला सुकमा का होना बताया गया तथा पुलिस को देखकर भागने का कारण पूछने पर संतोष जनक जवाब नहीं दिया गया। पकड़े गये व्यक्तियों के थैले की चेकिंग करने पर स्टील वॉल 04 पैकेट (800 नग ), मशीन स्कू 32 नंबर 02 पैकेट, ( 12 बॉक्स 1200 नग ), मशीन स्क्रू 25 नंबर 02 पैकेट (06 बॉक्स 1200 नग ). 04 यूएसबी स्मार्ट एडाप्टर चार्जर 01 नग, प्लास्टिक लेवलिंग पाईप 02 बंडल, इलेक्ट्रिक डेटोनेटर 03 नग, नान इलेक्ट्रिक डेटोनेटर 04 नग, कोर्डेक्स वायर लगभग 10 मीटर, 09 जिलेटिन रॉड 04 नग मिला। कड़ाई से पूछताछ करने पर प्रतिबंधित नक्सली संगठन में नक्सली सहयोगी का कार्य करना तथा बड़े नक्सली कमाण्डरों के कहने पर विस्फोटक सामग्रियों का परिवहन करना बताया गया। दोनों आरोपितों के विरूद्ध थाना चिंतागुफा में अपराध कमांक 11/ 2023 धारा 4, 5 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर अग्रिम वैधानिक कार्यवाही करते हुए शुक्रवार को न्यायालय के समक्ष पेश कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 October 2023

sukma, Female Naxalite, deputy command

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिला में बुधवार को पुलिस एवं सीआरपीएफ अधिकारियों के समक्ष आठ लाख की इनामी महिला नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया।आत्मसमर्पित महिला नक्सली संगठन में मिलिट्री प्लाटून नम्बर 24 डिप्टी कमाण्ड थी। आत्मसमर्पित नक्सली जिले की कुकानार थाना क्षेत्र की निवासी है। जिला सुकमा एवं दन्तेवाड़ा सीमावर्ती क्षेत्र में हुई बड़ी नक्सली घटनाओ में शामिल थी। नक्सली को आत्मसमर्पण हेतु प्रोत्साहित करने में जिला पुलिस बल एवं सीआरपीएफ 226 वाहिनी का विशेष प्रयास रहा है। जिले चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन से प्रभावित होकर नक्सली संगठन में सक्रिय महिला नक्सली करतम जोगी, मिलिट्री प्लाटून नं. 24 डिप्टी कमाण्डर, आठ लाख इनामी महिला नक्सली ने पुलिस एवं सीआरपीएफ अधिकारियों के समक्ष आत्म समर्पण किया। बुधवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय सुकमा में एसपी किरण चव्हाण, सीआरपीएफ 226 वाहिनी कमाण्डेन्ट कुलदीप कुमार जैन, एएसपी नक्सल ऑप्स प्रभात कुमार, एएसपी नक्सल ऑप्स रजत कुमार नाग, एएसपी नक्सल ऑप्स उत्तम प्रताप सिंह के समक्ष बिना हथियार के आत्मसमर्पण किया। आत्मसमर्पित महिला नक्सली को सहायता राशि व अन्य सुविधायें प्रदान किया जाएगा।   एसपी किरण चव्हाण ने बताया कि आठ लाख की इनामी महिला नक्सली, नक्सल संगठन में मिलिट्री प्लाटून नम्बर 24 की डिप्टी कमाण्ड के रूप में सक्रिय थी। आत्मसमर्पित महिला नक्सली कई नक्सली वारदातों में शामिल थी। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में नक्सलियों के खिलाफ चलाया जा रहे नक्सल ऑपरेशन में इसका फायदा फोर्स को मिलेगा। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि नक्सली संगठन का रास्ता छोड़कर समाज के मुख्य धारा में लौट आए, शासन की आत्मसमर्पण व पुनर्वास नीति लाभ लेते हुए पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर सामान्य रूप जीवन-यापन कर सकते हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 October 2023

sukma, Kawasi Lakhma , villager

सुकमा। 30 साल पहले प्रभारी मंत्री ने एक ग्रामीण से उधार में बैला लिए थे, उसके कर्ज को उतारने के लिए सात किलो मीटर बाइक और नाला पारकर पैदल उसके घर पहुंचे और उसके बकाए तीन हजार रुपये वापस किए। प्रभारी मंत्री ने बताया कि 30 साल पहले जब बैला धंधा करता था तो उस समय इस गांव के सोढ़ी देवा के पिता से एक बैला ले गया था उस समय मेरे पास तीन हजार रुपये थे और बाकी तीन हजार उधार में थे। उसके बाद मैने चुनाव लड़ा और बैला काम बंद कर दिया, लेकिन मेरे से ना तो कभी पैसे मांगे और ना ही मुझे याद था। लेकिन आज जब गांव पहुंचा और सोढ़ी देवा ने याद दिलाया तो मै बचे हुए तीन हजार दे रहा हूं और कर्ज मुक्त हुआ हूं। रविवार को मंत्री कवासी लखमा कांकेरलंका पहुंचे जहां से बाइक पर सवार होकर वेे 7 किमी. दूर स्थित कोर्रापाड़ पहुंचे, लेकिन इस बीच उन्हे पैदल छोटा सा नाला पार करना पड़ा और कड़ी मशक्कत के बाद गांव पहुंचे, तो ग्रामीणों ने जोरदार स्वागत किया। पारंपरिक ढोल के साथ नृत्य किया, जिसमें मंत्री कवासी लखमा खुद शामिल हुए। उन्हांेने कहा कि हमने चुनाव से पहले जो वादे किए उसे पूरा किया। आज आदिवासियों की आर्थिक स्थिति मजबूत हो रही है, धान का समर्थन मूल्य मिल रहा है। वनोपज का समर्थन मूल्य मिल रहा है, साथ ही तेंदुपत्ता का पैसा समय पर मिल रहा है। जिससे आप लोगों की आर्थिक स्थिति मजबूत हो रही है। पहले स्कूले बंद थी और राशन के लिए मीलों पैदल जाना पड़ता था। लेकिन हमारी सरकार बनते ही गांव-गांव में बंद स्कूलों को फिर से खोला गया, जिसमें हजारों आदिवासी बच्चे अपना बेहतर भविष्य बना रहे है। गांव में या फिर आसपास राशन दुकाने खुल गई जिसके चलते आप लोगांे को नजदीक राशन मिल रहा है। हमारी सरकार सुरक्षा, विश्वास और विकास को लेकर काम कर रही है। चुनाव होने वाले है, जैसा पहले मेरा साथ दिया ठीक उसी तरह आगे भी साथ दें। वहीं पेड़ के नीचे चैपाल लगाई और ग्रामीणों की समस्याओं को सुना। उससे पहले सर्व उरांव समाज का जिला मुख्यालय में कार्यक्रम का आयोजन था जिसमे उन्होने भाग लिया। इस दौरान काफी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे। सड़क बनेगी और विकास होगा : लखमा नक्सल प्रभावित गांव कोर्रापाड़, तोंगगुड़ा, पुनपल्ली, नेलगुड़ा पहुंचे मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि पिछले पांच सालांे में जिले के अधिकांश गांव को सड़कों से जोड़ दिया गया है। कुछ गांवांे में अब भी सड़कें नहीं बन पाई है, लेकिन आने वाले समय में उन गांवों को भी जोड़ दिया जाएगा। हर गांव हर घर में शुद्ध पेयजल व बिजली लगेगी धीरे-धीरे विकास हो रहा है और आप लोगों का साथ रहा तो आने वाले पांच सालों में ऐसा कोई गांव नहीं होगा जहां बिजली, पानी व सड़क नहीं बनेगी। इसलिए विकास और सुरक्षा व विश्वास के लिए आप मुझे सहयोग करें।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 October 2023

sukma, Six Naxalites, surrendered

सुकमा। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिला सुकमा में एक लाख इनामी मिलिशिया कमाण्डर सहित छह नक्सलियों ने सोमवार की देर शाम को पुलिस सीआरपीएफ के अधिकारियों के समक्ष आत्मसमर्पण किया। आत्म समर्पित सभी नक्सली कई बड़ी नक्सली वारदातों में शामिल थे। नक्सलियों के आत्म समर्पण करने से पुलिस को फायदा मिलेगा। आगे नक्सली गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए बड़ी कार्रवाई की जा सकेगी। नक्सलियों को आत्मसमर्पण के लिए प्रोत्साहित करने में सीआरपीएफ 131 वाहिनी के आमसूचना शाखा का विशेष प्रयास रहा है।     सुकमा पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक सोमवार देर शाम को छत्तीसगढ़ शासन की नक्सल उन्मूलन अभियान नीति के तहत विश्वास विकास एवं सुरक्षा की भावना से एवं सुकमा पुलिस द्वारा चलाए जा रहे पूना नर्कोम अभियान नई सुबह, नई शुरूआत से प्रभावित होकर छह सक्रिय नक्सलियों ने आत्म समर्पण किया। जिसमें मिलिशिया कमाण्डर एलमागुण्डा आरपीसी एक लाख इनामी सुक्का, मिलिशिया सदस्य मंगा, मिलिशिया सदस्य, सन्ना, मिलिशिया सदस्य लखमा, डीएकेएमएस सदस्य नंदा डीएकेएमएस सदस्य कोसा ने नक्सल ऑपरेशन कार्यालय सुकमा में सीआरपीएफ 131 वाहिनी द्वितीय कमान अधिकारी मौली मोहन कुमार, एएसपी उत्तम प्रताप सिंह के समक्ष बिना हथियार के आत्मसमर्पण किया गया है। सभी आत्मसमर्पित नक्सली थाना चिंतागुफा क्षेत्रान्तर्गत विभिन्न नक्सली गतिविधियों में सम्मिलित रहे है। सभी आत्मसमर्पित नक्सलियों को शासन की पुनर्वास योजना के तहत सहायता राशि व अन्य सुविधाएँ प्रदान किया जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 September 2023

sukma,  student of Potakabin ,consumed poison

सुकमा। जिले के एर्राबोर थाना क्षेत्र अंर्तगत एर्राबोर के पोटाकेबिन में रहकर आंठवीं कक्षा में पढऩे वाली एक छात्रा ने जहर सेवन कर लिया, तबीयत बिगड़ी तो उसे बीती रात में ही आनन-फानन में जिला अस्पताल लाया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है। फिलहाल उसकी स्थिति खतरे से बाहर है। प्रशासन की टीम पोटाकेबिन की अन्य छात्राओं से इस संबंध में बातचीत कर रही है।     प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार की रात खाना खाने के बाद सारी छात्राएं अपने कमरे में ही बैठी हुई थीं। पोटाकेबिन में छात्राओं के बीच किसी बात को लेकर हुए विवाद के बाद छात्रा ने आत्महत्या का प्रयास किया। कुछ देर बाद उसकी तबीयत अचानक बिगडऩे लगी। इसके बाद वहां मौजूद अन्य छात्राओं ने अधीक्षिका को इसकी जानकारी दी। फिर उसे कोंटा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। जहां डॉक्टर ने छात्रा का प्रारंभिक उपचार किया और बेहतर इलाज के लिए सुकमा जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। जिला अस्पताल में छात्रा का इलाज जारी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 September 2023

sukma, Sisters reach Errabor ,martyred brothers

सुकमा। जिले के ग्राम एर्राबोर के समीप साप्ताहिक बाजार स्थल के पास शहीद स्मारक में 12 जवानों शहीद जवानों की प्रतिमा बनाई गईं हैं। यह सभी जवान गांव के आस-पास के रहने वाले हैं और अलग-अलग नक्सली मुठभेड़ में शहीद हुए हैं।   उल्लेखनीय है कि 10 जुलाई 2007 को एर्राबोर थानाक्षेत्र के उत्पलमेटा की घटना में 23 जवान शहीद हो गए थे। इसमें से छह जवान ग्राम एर्राबोर के ही थे। इस शहीद स्मारक में अनवरत 14 वर्षों से आज भी बहनें प्रतिवर्ष यहां पहुंचकर अपने शहीद भाइयों की प्रतिमा के हाथों में राखी बांधकर इस पवित्र रिश्ते को निभा रही हैं। इतना ही नही शहीद भाईयों से स्वयं की रक्षा का वचन भी लेती हैं। यहां प्रति वर्ष रक्षाबंधन के दिन बहनों का तांता लगा रहता है। वहीं स्वतंत्रता व गणतंत्र दिवस पर पुलिस विभाग कार्यक्रम का आयोजन करती है।   शहीद वेंकटेश सोयम की बहन सोयम संकरी ने बताया कि मेरा भाई वेंकटेश सोयम वर्ष 2007 में शहीद हो गया था। उसके दूसरे साल से लेकर अब तक प्रति वर्ष रक्षाबंधन में शहीद स्माकर में आती हूं और भाई की कलाई में रक्षासूत्र बांधती हूं। शहीद चंद्रा सोयम की बहन कमला सोयम ने बताया कि मई 2010 में चिंगावरम के पास नक्सलियों ने एक बस को बम से उड़ा दिया था, जिसमें मेरा भाई चंद्रा सोयम भी थे। उस वक्त मैं छोटी थी और यहां पर मेरे भाई का स्मारक बनाया गया। इसके बाद से प्रति वर्ष हम परिवार के साथ रक्षाबंधन के दिन राखी बांधने आते हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 August 2023

Sukma, Encounter , police and Maoists

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के चिंतागुफा थाना क्षेत्र के कोर एरिया छोटेकेड़वाल के जंगलों में पुलिस नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। पुलिस के अनुसार इस मुठभेड़ में 4-6 नक्सलियों की मारे जाने या घायल होने की संभावना बताया जा रहा है। जबकि नक्सलियों द्वारा 28 जुलाई से 03 अगस्त तक शहीद सप्ताह मनाया जा रहा है।   एसपी किरण चव्हाण ने बताया कि जिले के थाना चिंतागुफा व किस्टाराम के सरहदी ग्राम छोटेकेड़वाल, बड़ेकेड़वाल व सिंघनमड़गू के जंगलों में किस्टाराम एरिया कमेटी के इंचार्ज डीव्हीसीएम राजू एवं प्लाटून नंबर 08 का इंचार्ज मासा के साथ लगभग 30-35 नक्सलियों की उपस्थिति एवं नक्सलियों द्वारा शहीद सप्ताह मनाये जाने की सूचना पर डीआरजी एवं कोबरा द्वारा विशेष नक्सल विरोधी अभियान संचालित किया गया। शनिवार सुबह नक्सल अभियान के दौरान छोटेकेड़वाल के जंगलों में नक्सलियों के द्वारा पुलिस पार्टी को देखकर नक्सलियों ने जवानों के ऊपर अंधाधूंध फायरिंग कर दिए। इधर जवाब में डीआरजी के जवानों द्वारा भी फायरिंग किया है। दोनों ओर से फायरिंग लगभग 01 घंटे तक चली। पार्टी अभी अभियान पर है वापसी पश्चात ही विस्तृत जानकारी दी जायेगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 July 2023

आदिपुरुष फिल्‍म को लेकर कांग्रेस का विरोध

 आदिपुरुष फिल्‍म को लेकर कांग्रेस ने अपना विरोध दर्ज कराया और सुकमा सिनेमा हाल में ताला जड़ दिया। इसके साथ ही सेंसर बोर्ड के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और कहा कि ये फिल्‍म सनातन धर्म के खिलाफ हैं। नगर पालिका अध्यक्ष राजू साहू अपने समर्थकों के साथ पहुंचे और विरोध प्रदर्शन कर सेंसर बोर्ड का पुतला दहन भी किया।जिला मुख्यालय स्थित सारदा सिनेमा हाल पहुंचे नगर पालिका अध्यक्ष राजू साहू व उनके समर्थकों ने आदिपुरुष फिल्‍म को लेकर विरोध दर्ज किया। सिनेमा के चल रही आदिपुरुष फिल्‍म को बंद कराया और ताला जड़ दिया। वहीं फिल्म के राइटर मनोज मुंतशिर, निर्माता कृष्ण कुमार, निर्देशक ओम रावत, सेंसर बोर्ड के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। पालिकाध्यक्ष राजू साहू ने कहा कि यह फिल्‍म सनातन धर्म के खिलाफ है। इस फिल्म में वाल्मीकि रामायण और तुलसीदास के रामायण को बदलकर दिखाया गया है। भगवान राम का व्यक्तित्व सौम्य था, जबकि इसमें महाबली दिखाया गया है।राजू साहू एवं कार्यकर्ताओं ने आदिपुरुष फिल्‍म को हिंदू धर्म की धार्मिक मान्यताओं से खिलवाड़ करने वाली फिल्म बताया। आगे कहा फिल्म आदिपुरुष में पूरी दुनिया के अराध्य प्रभु श्रीराम, भगवान हनुमान, लक्ष्मण, माता सीता की छवि को खराब करने का काम इस फिल्म ने किया है। बेतुके संवाद लिखे गए हैं, पूरी रामायण को बदलने का सुनियोजित षड़यंत्र किया गया है। ऐसे ऐसे संवाद लिखे है, जो सड़क छाप है। आज की पीढ़ी पर इसका बिलकुल गलत प्रभाव पड़ेगा। भाजपा की सरकार, सेंसर बोर्ड, स्वंभू हिंदूवादी संगठन सब आंखें मूंद कर सो रहे हैं। इससे साफ जाहिर होता है कि भाजपा के लिए प्रभु राम सिर्फ वोट पाने का माध्यम है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 June 2023

raipur, Encounter continues , police and Maoists

रायपुर /सुकमा। छत्तीसगढ़ के अति नक्सल प्रभावित बीजापुर और सुकमा जिले के सीमावर्ती क्षेत्र में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ जारी है। हालांकि अभी तक मुठभेड़ की आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। बताया गया है कि कोबरा बटालियन और एसटीएफ के जवान इलाके में सर्चिंग के लिए निकले थे। इस दौरान जंगल में घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने जवानों पर हमला कर दिया। बिना मौका गंवाए जवानों ने मोर्चा संभालते हुए गोलीबारी का जवाब देना शुरू किया। सूत्रों के अनुसार यह मुठभेड़ सुकमा और बीजापुर सीमावर्ती क्षेत्र तरेम के जंगल में हुई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 June 2023

raipur, Three-four Naxalites ,police encounter

रायपुर/सुकमा। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के रेगड़गट्टा इलाके में शनिवार सुबह एक बार फिर पुलिस व नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई है। इस मुठभेड़ में 3-4 नक्सलियों के घायल होने का दावा किया जा रहा है।   एसपी किरण चव्हाण ने मुठभेड़ की पुष्टि की है। बताया गया है कि जवानों को नक्सली कमांडर मंगड़ू की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इसके बाद डीआरजी टीम को रेगड़गट्टा इलाके में भेजा गया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 June 2023

sukma, Two Naxalites surrendered

सुकमा। जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत एक लाख के इनामी नक्सली सीएनएम कमांडर वेट्टी राजा एवं मिलिशिया सदस्य रवा सोमा ने शुक्रवार को पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की दूसरी बटालियन के अधिकारियों के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस ने उनकी पहचान नक्सलियों की सांस्कृतिक शाखा चेतना नाट्य मंडली (सीएनएम) के कमांडर वेट्टी राजा और मिलिशिया सदस्य रवा सोमा के रूप में की है। आत्मसमर्पित नक्सली वेट्टी राजा पर एक लाख रुपये का इनाम था। दोनों ने पुलिस को बताया कि वे नक्सलियों के लिए जिला पुलिस के पुनर्वास अभियान ‘पूना नार्कोम’ से भी प्रभावित थे। पुलिस ने कहा कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों को छत्तीसगढ़ सरकार की आत्मसमर्पण और पुनर्वास नीति के अनुसार सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 June 2023

sukma, Three Maoists , arrested

सुकमा। जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत थाना कोंटा डीआरजी की टीम ने सूचना पर सुन्नमगुडा एवं मुरलीगुडा से आगजनी व आईईडी विस्फोअ की वारदातों में शामिल तीन नक्सलियों को गिरफ्तार कर सोमवार को न्यायालय में पेश किया गया। गिरफ्तार नक्सली जनमिलिशिया सदस्य मड़कम देवा पिता मड़कम जोगा उम्र 21 वर्ष, नक्सली डीएकेएमएस सदस्य मड़कम हिड़मा पिता स्व. मड़कम सींगा उम्र 36 वर्ष, गोमपाड़ नक्सली आरपीसी अध्यक्ष व आर्थिक कमेटी सदस्य सोयम जोगा पिता स्व. सोयम रामा उम्र 35 वर्ष शामिल हैं।   गिरफ्तार नक्सलियों से पूछताछ में उन्होंने बताया कि कोटा एरिया कमेटी के नक्सली कमांडर देवा के आदेश पर क्षेत्र में रेकी करने के उददेश्य से आये हुए थे। गिरफ्तार तीनों नक्सली आरोपित इससे पूर्व भी 19 जनवरी 2023 को ग्राम मुरलीगुडा बन्डा के बीच चल रहे बिजली विभाग का नवीन सब डिविजन पाॅवर हाउस निर्माण कार्य के दौरान कार्य कर रहे मजदूरों केसाथ मारपीट एवं लूटपाट की घटना में शामिल थे। 01 मार्च 2023 को कोंटा से गोलापल्ली रोड में बोलेरो वाहन क्रमांक सीजी-17केके -3104 की आगजनी की घटना एवं 21 अप्रेल 2023 को ग्राम बण्डा एवं कन्हाईगुडा के मध्य जंगल पहाड़ी के पास आईईडी विस्फोट की वारदातों में शामिल रहना स्वीकार किये हैं। इनके कब्जे से कुल्हाड़ी व विस्फोटक पदार्थ आईईडी बरामद कर उक्त तीनों नक्सली आरोपितों की थाना कोटा के अपराध आर्म्स एक्ट एवं अपराध विस्फोटक पदार्थ अधिनियम, आर्म्स एक्ट नक्सली घटनाओं में संलिप्तता पाये जाने से कार्रवाई उपरांत सोमवार को न्यायालय के समक्ष पेश किया गया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 May 2023

sukma, Naxalite militia,surrendered

सुकमा। जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान पूना नर्कोम अभियान (नई सुबह, नई शुरुआत) के तहत नक्सली संगठन में सक्रिय मिलिशिया सदस्य पुनेम हुर्रा निवासी थाना चिंतागुफा ने रविवार को नक्सल ऑपरेशन कार्यालय सुकमा में परमेश्वर तिलकवार पुलिस अनुविभागीय अधिकारी सुकमा के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है।   उक्त नक्सली को आत्मसमर्पण हेतु प्रोत्साहित कराने में 131 वाहिनी सीआरपीएफ के विशेष आसूचना शाखा का विशेष प्रयास रहा। आत्मसमर्पित नक्सली को छत्तीसगढ़ शासन की पुनर्वास योजना के तहत प्रोत्साहन राशि व अन्य सुविधायें प्रदाय किया जायेगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 May 2023

sekma, Jhiram incident , Kedar Kashyap

सुकमा। जिला मुख्यालय पहुंचे पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि झीरम कांड कांग्रेस नेताओं के आपसी वर्चस्व की लड़ाई का नतीजा है। स्व. महेंद्र कर्मा के बेटे छविंद्र कर्मा ने प्रदेश के आबकारी व उद्योग मंत्री कवासी लखमा का नार्को टेस्ट कराने की मांग की है। कांग्रेस सरकार के बड़े नेता भी समय-समय पर झीरम कांड के सबूत उनके पास होने का दावा करते हैं। अगर उनके पास सबूत हैं तो उन्हें उसे सार्वजनिक करना चाहिए।   उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार सबूतों को सार्वजनिक नहीं करके किसे बचाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि झीरम की 10वीं बरसी पर शहीदों को श्रद्धांजलि देने जगदलपुर में आयोजित कार्यक्रम में कांग्रेसी नेता आपस में हंसी-ठिठोली करते हुए नजर आए, 300 बकरा काटने की बात हो रही थी। कांग्रेस झीरम कांड में शहीद अपने ही नेताओं के नाम पर सिर्फ राजनीति कर रही है। केदार कश्यप ने कहा कि झीरम में शहीद स्व. महेंद्र कर्मा के नाम पर कांग्रेस ने तेंदूपत्ता संग्राहक सामाजिक सुरक्षा योजना की शुरुआत की पर हितग्राहियों को सहायता राशि के बदले सिर्फ उन्हें डेमो चेक दिया गया। आज तक ज्यादातर लोगों के खाते में पैसे नहीं आए। इससे पता चलता है कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार अपने शहीद नेताओं के नाम पर योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर कितनी गंभीर है। कश्यप ने कहा कि झीरम मामले में मुख्यमंत्री जनता को गुमराह कर रहे हैं। अगर मुख्यमंत्री बघेल के पास झीरम कांड से संबंधित सबूत और दस्तावेज हैं तो उसे सार्वजनिक करें। प्रदेश में कांग्रेस सरकार के पांच साल पूरे होने के आए हैं और झीरम मामले पर कांग्रेसी केवल घडिय़ाली आंसू बहा रहे हैं। उन्होने कहा कि जगदलपुर में बने झीरम मेमोरियल के नाम पर 06 करोड़ का फर्जीवाड़ा किया गया है। कांग्रेसी शहीदों के नाम पर राजनीति कर उनका अपमान कर रही हैं। कश्यप ने कहा कि प्रदेश में जब से कांग्रेस की सरकार सत्ता में आई तब से प्रदेश में अराजकता का माहौल है। ईडी की कार्रवाई को लेकर कांग्रेसी सवाल उठा रहे हैं। जबकि भ्रष्टाचार के खिलाफ ईडी द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही है। कांग्रेस सरकार हमेशा से भ्रष्टाचार के पक्ष में खड़ी है। भ्रष्टाचार के खेल में आईएएस अधिकारी भी शामिल हैं। कश्यप ने कहा कि मंत्री बनने के बाद से लखमा हवाई दौरा ही कर रहे हैं। कभी सड़क मार्ग से दौरा करते तो उन्हें पता चलता कि जिले की सड़कों का क्या हाल है। टेंडर जारी होने के बाद भी सड़क का काम नहीं हो पा रहा है। कमीशनखोरी के कारण सड़कों का काम रोक दिया गया है। मैं मंत्री कवासी लखमा से मांग करता हूं कि वे सड़क मार्ग से सुकमा जिले का दौरा करें।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 May 2023

sukma, SP denied , Naxalites

सुकमा। जिले के एसपी सुनील शर्मा ने शनिवार को नक्सलियों के भ्रामक प्रचार का खण्डन करते हुए बताया कि गत 08 मई को भेज्जी थाना के दंतेशपुरम के जंगल में पुलिस के साथ मुठभेड़ में इनामी नक्सली कमांडर मड़काम एर्रा व गोलापल्ली आईओएस सदस्या पोड़ियामी भीमे मारे गये थे। शवों का उच्चतम न्यायालय, एनएचआरसी के गाइडलाइन एवं अन्य संबंधित नियमों का पालन करते हुए जिला अस्पताल सुकमा में मेडिकल ऑफिसर के द्वारा कार्यपालिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पोस्टमॉर्टम किया गया था।   उन्होंने बताया कि पोस्टमॉर्टम कानूनी प्रक्रिया का पालन करते हुए शवों को मड़काम एर्रा के पिता मड़काम कोसा और दंतेशपुरम से आये उनके परिवार जनों को गवाहों की उपस्थिति में सुपुर्दगीनामा के माध्यम से किया गया था। शवों को उनके परिवारजन वाहन के माध्यम से अपने साथ ले गये थे और अपने सांस्कृतिक रीति रिवाजों से उन्होंने अंतिम संस्कार किया। पुलिस ने उनके किसी परिवारजन को गिरफ्तार या हिरासत में नहीं लिया था, यह नक्सलियों द्वारा फैलाया जा रहा कोरा झूठ है। स्थानीय युवक-युवतियों को दिग्भ्रमित करके नक्सली संगठन में जबरदस्ती शामिल करना और मारे जाने पर उनके परिवार को कोई सहायता या जवाब नहीं देना पड़े, इसके लिए नक्सली संगठन इस तरह का झूठा प्रचार करते रहते हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 May 2023

2000  carore rupees ka sarab ghotala

छत्तीसगढ़ में उजागर हुए 2000 करोड़ रुपए के शराब घोटाले को लेकर कांग्रेस सरकार के विरोध में भारतीय जनता पार्टी ने जिला स्तरीय महाधरना दिया। भाजपा नेताओं ने अपने संबोधन में कांग्रेस सरकार पर जमकर हमला बोला।बीजेपी नेताओं-कार्यकर्ताओं ने शहर के अग्रसेन चौक पर जिला स्तरीय महाधरना में विरोध प्रदर्शन किया। धरने को संबोधित करते हुए पूर्व गृहमंत्री रामसेवक पैकरा ने कहा कि कांग्रेस सरकार घोटालों की सरकार है। 2000 करोड़ का उजागर शराब घोटाला इसकी गवाही दे रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को नैतिकता के आधार पर अविलंब इस्तीफा देना चाहिए।बीजेपी के वरिष्ठ नेता रामसेवक पैकरा ने कहा कि कांग्रेस सरकार छत्तीसगढ़ के मेहनतकश निवासियों का धन घोटालों के जरिए लूट रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में छत्तीसगढ़ में विकास अवरूद्ध है, जनता भयभीत है, कानून-व्यवस्था हाशिये पर है। राज्य में जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। ईडी की कार्रवाई से सामने आए 2000 रुपए करोड़ के घोटाले को लेकर भाजपा आम जनता के बीच जा रही है। ऐसी भ्रष्ट सरकार को सत्ता में बने रहने का अधिकार नहीं है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 May 2023

karnatka election congress party bhupesh baghel

  छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कर्नाटक चुनाव में जीत का लड्‌डू खाया। ये लड्‌डू कांग्रेस नेताओं और पत्रकारों को भी मुख्यमंत्री ने खिलाया।भूपेश बघेल ने मीडिया से बात की और कर्नाटक चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया। भूपेश बघेल ने कहा, हिमालय से लेकर अब समुद्र तक कांग्रेस ने सफलता हासिल की है। उन्होंने आगे कहा- भाजपा कांग्रेस मुक्त भारत की बात करती है। लेकिन अब दक्षिण भारत से भाजपा मुक्त हो रही है। भाजपा को पता था कि हारने वाले हैं अब टीवी में जेपी नड्‌डा की तस्वीर दिख रही है।भाजपा के लाेग मोदी की जगह योगी-योगी करते थे, बुलडोजर की बात करने लगे थे। छत्तीसगढ़ भाजपा के नेता अरुण साव को पता है कि प्रधानमंत्री मोदी का जादू खत्म हो गया है। इसलिए वो भी योगी और बुलडोजर की बात करने लगे। आज जो कामयाबी मिलने वाली है। इसके लिए मैं सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे समेत कर्नाटक स्टेट लीडरशिप को बधाई देता हूं।कर्नाटक की जनता ने जो फैसला दिया, इससे साफ है कि बजरंग बली कांग्रेस के साथ हैं। कर्नाटक में राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा की। मैं भारत जोड़ो यात्रा में था। उसी समय से लग गया था झुकाव कांग्रेस की ओर है। इस पूरे चुनाव में रणनीति एक हिस्सा है। इसमें घोषणा पत्र, कार्यकर्ताओं का उत्साह ये सब मिलाकर जीत मिलती है। उसी का असर है। बड़ा राज्य जहां 224 सीटें और भाजपा की सरकार थी इसे हमने छीना,हिमाचल को भी छीना। अब कांग्रेस कार्यकर्ताओं में और आत्मविश्वास बढ़ेगा।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 May 2023

chattishgarh board ke natije ghodhit

छत्तीसगढ़ बोर्ड के 10वीं और 12वीं के नतीजे जारी हो गए। माध्यमिक शिक्षा मंडल के सभागृह में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने रिजल्ट जारी किया। रायगढ़ की विधि भोंसले 12वीं की टॉपर रहीं। और जांजगीर के विवेक अग्रवाल दूसरे स्थान पर रहें। 10वीं में जशपुर के राहुल यादव ने पहला स्थान हासिल किया।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सभी परीक्षार्थियों एवं उनके अभिभावकों को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है। उन्होंने कहा, दसवीं और 12वीं की परीक्षा में टॉप टेन में स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को हेलीकॉप्टर राइड कराया जाएगा। जिन बच्चों को आशा अनुरूप परिणाम प्राप्त नहीं हुआ है। उन्हें सीख लेते हुए आगे और मेहनत करना चाहिए। असफलता ही सफलता की सीढ़ी है। इसको ध्यान में रखते हुए वे निराश न हों। और दोबारा मेहनत से पढ़ाई करके सफलता प्राप्त करें।छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित हाई स्कूल की परीक्षा में 3 लाख 30 हजार 681 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए, जिनमें 1 लाख 52 हजार 891 बालक और 1 लाख 77 हजार 790 बालिकाएं शामिल हुईं। जिनमें 3 लाख 30 हजार 055 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम घोषित किये गए। परीक्षार्थियों में पहली श्रेणी में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 1,09,903 (33.30 फीसदी) है। दूसरी श्रेणी में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 1,19,901 (36.32 फीसदी) है। और तीसरी श्रेणी में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 17,914 (5.43 प्रतिशत) है। 03 परीक्षार्थी श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं।वहीं 12वीं में 3,23,625 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए। जिनमें 1,43,919 बच्चे और 1,79,706 बच्चियों ने हिस्सा लिया जिनमें 3,23,266 परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम घोषित किए गए। उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 2,58,500 है। 83.64 फीसदी बेटियां और 75.36 फीसदी बच्चे सफल हुए हैं। पहली श्रेणी में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 87,140 (26.96 प्रतिशत) है। द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 1,45,965 (45.15 प्रतिशत) है। और तीसरी श्रेणी में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 25,377 (7.85 प्रतिशत) है। 18 परीक्षार्थी श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। 22,751 परीक्षार्थियों को पूरक परीक्षा देनी होगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 May 2023

raipur, Rewarded Naxalite couple, killed in encounter

सुकमा /रायपुर। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के भेजी थाना क्षेत्र में दंतेशपुरम के जंगल में आज (सोमवार) सुबह सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में दो इनामी नक्सलियों (पति-पत्नी) को मार गिराया। एक पर आठ लाख और दूसरे पर तीन लाख रुपये का इनाम घोषित था।   पुलिस सूत्रों के अनुसार पुलिस अधीक्षक सुनील के नेतृत्व में सर्चिंग पर निकाले जवानों ने नक्सलियों के घात लगाकर किए गए हमले को विफल कर दिया। इस दौरान हुई मुठभेड़ में गुल्लापल्ली एसओएस कमांडर मड़कम अर्रा और उसकी पत्नी पोडियम अर्रा को ढेर कर दिया गया। मड़कम पर आठ लाख और पोडियम पर तीन लाख रुपये का इनाम घोषित था। घटनास्थल से हथियार और अन्य सामग्री बरामद हुई है। नक्सलियों के सफाये के लिए सुरक्षा बलों और पुलिस का अभियान जारी है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 May 2023

sukma, Hemla Somlu ,alias Vasant

सुकमा। नक्सलियों के पीएलजीए की बटालियन नम्बर एक का सदस्य हेमला सोमलु उर्फ रवि उर्फ वसंत बीजापुर जिले के गंगालूर थाना क्षेत्र के कोरचोली निवासी की 03 मई को लंबी बीमारी के बाद मौत हो गई। नक्सलियों की दक्षिण सब जोनल ब्यूरो प्रवक्ता समता ने रविवार को प्रेस वक्तव्य जारी कर खुलासा करते हुए बताया कि हेमला सोमलु नक्सलियों की बटालियन नम्बर एक का प्रमुख हिड़मा के टेक्निकल टीम का प्रमुख था। सोमलू नक्सलियों की बटालियन में लांचर एवं लांचर सेल बनाने का एक्सपर्ट था। नक्सलियों के हथियार कारखाना का प्रभारी था। वसन्त संगठन में 26 साल रहने के दौरान इसने सैकड़ो हथियार, गोलाबारूद और बम बनाकर इसने पीएलजीए को मजबूत किया था। नक्सली कमांडर बसन्त उर्फ सोमलू उर्फ रवि ताड़मेटला, उर्पलमेटा, तोंगगुड़ा और भट्टिगुड़ा जैसे बड़े हमलों में शामिल था। बसन्त की मौत को नकालियों ने सबसे बड़ा नुकसान होना स्वीकार किया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 May 2023

sukma, Naxalite arrested,explosive material

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में पुलिस व सीआरपीएफ के जवानों को 2 लाख इनामी नक्सली को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है। गिरफ्तार नक्सली कई बड़ी वारदातों में शामिल रहा है।शुक्रवार को गिरफ्तार नक्सली को न्यायालय के समक्ष पेश कर जेल भेज दिया गया है। जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत को थाना चिंतागुफा क्षेत्रान्तर्गत कैम्प करीगुण्डम से सारंग, कमाण्डेन्ट 150 वाहिनी सीआरपीएफ के नेतृत्व में 150 वाहिनी सीआरपीएफ का बल, अनिल कुमार, द्वितीय कमान अधिकारी, श्रीनिवास डिप्टी कमाण्डेन्ट, सुरेश कुमार सहायक कमाण्डेन्ट 206 वाहिनी कोबरा के हमराह 206 वाहिनी कोबरा का बल, एसटीएफ कंपनी कमाण्डर अयोध्या सिंह बनाफर के हमराह एसटीएफ का बल एवं प्रआर. उमेश कुंजाम, डीआरजी कमाण्डर कोण्टा के हमराह डीआरजी का बल नक्सल विरोधी अभियान हेतु ग्राम कसालपाड़, मट्टेमरका की ओर रवाना हुए। वापसी के दौरान ग्राम कसालपाड़ के जंगल के पास एक संदिग्ध व्यक्ति पुलिस पार्टी को देख कर छुपने का प्रयास कर रहा था। जिसे पुलिस पार्टी द्वारा घेराबंदी कर पकड़ा गया। पूछताछ करने पर उसनेअपना नाम पोड़ियामी मनोज उर्फ मासा, पिता पोड़ियामी नंदा,उम्र 35 वर्ष ,निवासी मलोलबण्डा थाना कोण्टा जिला सुकमा का होना बताया।उसने नक्सली संगठन में कार्य करना बताया। उस पर छत्तीसगढ़ शासन द्वारा दो लाख का इनाम घोषित है। पकड़े गये आरोपित नक्सली के निशानदेही पर जंगल झाड़ी में छुपाकर रखा गया एक टिफिन बम, 10 नग इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, 20 मीटर इलेक्ट्रिक वायर, 02 मीटर कोर्डेक्स वायर बरामद किया गया। उक्त घटना के अतिरिक्त पोड़ियाम मनोज से पूछताछ में नक्सली संगठन में थाना भेज्जी एवं थाना चिंतागुफा क्षेत्रों में घटित विभिन्न नक्सली गतिविधियों में शामिल रहना स्वीकार किया। उक्त प्रकरण में अग्रिम वैधानिक कार्यवाही करते हुये पोड़ियम मनोज को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश कर जेल दाखिल किया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 April 2023

sukma, Maoists killed , sharp weapon

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के भेज्जी थाना क्षेत्र अंर्तगत ओंधेरपारा में भी बीती रात नक्सलियों ने एक ग्रामीण मड़कम रमेश को घर से अपहरण कर कुछ दूर ले जाकर धारदार हथियार से हत्या कर दी, जिसका शव बुधवार सुबह बरामद किया गया है। शव के पास नक्सलियों ने पर्चे फेंके हैं, इसमें लिखा है कि मड़कम रमेश तीन वर्ष से मुखबिरी कर रहा था। पुलिस मुखबिरी छोड़़़ने के लिए उसे कई बार समझाया भी, पर नहीं माना। इसके बाद नक्सलियों की कोंटा एरिया कमेटी ने उसकी मौत का फरमान जारी कर दिया। नक्सलियों ने ग्रामीण के भाई को भी धमकी दी है। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।   ओंधेरपारा निवासी मड़कम राजेश ने बताया कि, बीती रात घर के सभी सदस्य खाना खाने के बाद सो रहे थे। इसी दौरान कुछ नक्सली घर में घुस आए। उन्होंने बड़े भाई मड़कम रमेश को उठाया और फिर घर से कुछ दूर ले जाकर हत्या कर दी।     एसपी सुनील शर्मा ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया किए नक्सली अब खात्मे की ओर हैं, इसलिए गरीब आदिवासियों को डराने के साथ ही हत्या कर रहे हैं। उन्होने कहा कि इस घटना को कोंटा एरिया कमेटी ने अंजाम दिया है। ग्रामीण की हत्या में शामिल नक्सलियों पर कार्यवाही की जाएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 March 2023

sukma, Maoists injured ,encounter with jawans

सुकमा /रायपुर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के डब्बामरका कैंप में गुरुवार सुबह जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। जिसमें 5 से 6 नक्सलियों के घायल होने की खबर है। सुकमा पुलिस अधीक्षक सुनील शर्मा ने इसकी पुष्टि की है। पुलिस अधीक्षक से प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार सुबह करीब छह बजे डब्बामरका कैंप से कोबरा और एसटीएफ का संयुक्त दल नक्सल विरोधी अभियान पर सकलेर की ओर रवाना हुआ था।   अभियान के दौरान कोबरा और एसटीएफ के संयुक्त दल और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। सुरक्षा बलों की टीम ने जवाबी कार्रवाई करते हुए नक्सलियों को भारी नुकसान पहुंचाया है। वहीं, पुलिस ने नक्सलियों के पास से भारी मात्रा में बीजीएल समेत अन्य नक्सल विस्फोटक सामग्री भी बरामद की है। सुकमा पुलिस अधीक्षक सुनील शर्मा ने बताया कि मुठभेड़ में 5 से 6 नक्सलियों के घायल होने की सूचना है। बस्तर आईजी सुन्दरराज पी ने मुठभेड़ की पुष्टि करते हुए बताया कि कोबरा-एसटीएफ और सीआरपीएफ का संयुक्त बल इलाके को घेर कर जांच-पड़ताल कर रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 March 2023

sukma, Maoists,BSNL cable line

सुकमा। जिले के कोन्टा थाना क्षेत्र अंतर्गत बंडा-गोलापल्ली मार्ग पर नक्सलियों ने बुधवार को बीएसएनएल केबल लाइन बिछा रहे कर्मचारियों के साथ मारपीट की और उनके वाहन को आग के हवाले कर दिया। घटनास्थल पर चस्पा किए गए पर्चे में कोन्टा एरिया कमेटी ने इस घटना की जिम्मेदारी ली है।   टेलीकॉम कंपनी के कुछ कर्मचारी और मजदूर इन दिनों सुरक्षाबलों के कैम्पों तक केबल लाइन बिछाने का कार्य कर रहे हैं। अचानक ग्रामीण वेशभूषा में पहुंचे माओवादियों ने इन कर्मचारियों पर अपना गुस्सा उतारा। नक्सलियों ने बीएसएनएल एसडीओ धनवीर देवांगन, बक्सी पटेल, संजय सिंह की पिटाई की। नक्सलियों ने बोलेरो वाहन को आग के हवाले कर दिया। इस घटना के बाद से इलाके में दहशत माहौल है। सभी घायल कर्मचारियों का कोन्टा सामुदायिक अस्पताल में इलाज किया जा रहा है।   कोन्टा एसडीओपी रोहित शुक्ला ने बताया कि बंडा-गोलापल्ली मार्ग में बीएसएनएल केबल लाइन का कार्य किया जा रहा था। इस दौरान करीब 50 की संख्या में पहुंचे नक्सलियों ने बोलेरो वाहन को आग लगा दी और तीन कर्मचारियों के साथ जमकर पिटाई की गई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 March 2023

sukma, 3 jawans martyred Naxalites

सुकमा। सुकमा जिले के जगरगुंडा थाना क्षेत्र में शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे पुलिस की नक्सलियों से मुठभेड़ हुई जिसमें 3 जवान शहीद और दो जवान घायल हो गए हैं। घायल जवानों को जल्द सुकमा लाया जा रहा है।मुठभेड़ की पुष्टि आई जीपी सुंदरराज ने की है। प्राप्त जानकारी के अनुसार दंतेवाड़ा और सुकमा से डीआरजी टीम सर्चिंग के लिए निकली थी। बाइक से जा रहे जवानों पर कुंडेर के पास घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने अचानक अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। जबतक जवान कुछ समझ पाते, नक्सलियों की गोलीबारी की चपेट में आ गए। जवानों ने मोर्चा संभालते हुए जवाबी कार्रवाई की लेकिन तब तक 5 जवान घायल हो चुके थे। इनमें से 3 जवान शहीद हो गए। मुठभेड़ में जगरगुंडा निवासी डीआरजी एसआई रामूराम नाग, चिंलानार मरकागुड़ा निवासी सहायक आरक्षक वंजाम भीमा, कुंजाम भीमा निवासी जगरगुंडा शहीद हुए हैं। वहीं, मुठभेड़ स्थल से जवानों के हथियार लूटे जाने की भी खबर है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 February 2023

sukma, Militia Command , Chief surrendered

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में एक लाख के इनामी मिलिशिया कमाण्ड इन चीफ ने पुलिस और कोबरा के अधिकारियों के समक्ष आत्म समर्पण किया गया। विगत 15-17 वर्षो से थाना किस्टाराम क्षेत्र में आत्मसमर्पित नक्सली सक्रिय था। वहीं आत्मसमर्पित नक्सली कई नक्सल घटनाओं में शामिल था।   जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत छत्तीसगढ़ शासन की पुनर्वास नीति के प्रचार-प्रसार तथा सुकमा पुलिस द्वारा चलाये जा रहे पूना नर्कोम अभियान "नई सुबह, नई शुरूआत" व थाना किस्टाराम के अदंरूनी क्षेत्रों में नवीन सुरक्षा कैम्पों के स्थापित होने से क्षेत्र में हो रहे विकासात्मक कार्यों से प्रभावित नक्सलियों के भेदभाव करने तथा स्थानीय आदिवासियों पर होने वाले हिंसा से तंग आकर प्रतिबंधित नक्सली संगठन में सक्रिय नक्सली मिलिशिया कमाण्ड इन चीफ मड़कम हड़मा उर्फ लालू, एक लाख इनामी नक्सली, निवासी किस्टाराम थाना क्षेत्र जिला सुकमा ने शुक्रवार को नक्सल ऑपरेशन कार्यालय सुकमा में एएसपी नक्सल ऑप्स किरण चव्हाण, कोबरा 208 वाहिनी सहायक कमाण्डेन्ट हेमंत प्लास के समक्ष बिना हथियार के आत्मसमर्पण किया गया। उक्त नक्सली को आत्मसमर्पण के लिए प्रोत्साहित कराने में 208 वाहिनी कोबरा के आसूचना शाखा का विशेष प्रयास रहा। उक्त आत्मसमर्पित नक्सली को शासन के पुनर्वास नीति के तहत् सहायता राशि व अन्य सुविधाएं प्रदान किया जाएगा।   इन घटनाओं में था शामिल वहीं आत्मसमर्पित मड़कम हड़मा उर्फ लालू वर्ष 2007 वीराभट्टी मुठभेड़ घटना में लालू सहित 3 नक्सली घायल, वर्ष 2013 थाना किस्टाराम पर फायरिंग घटना में 2 पुलिस जवान शहीद व 2 जवान घायल, वर्ष 2018 कांसाराम नाला के पास लैण्ड मांईस व्हीकल पर विस्फोट घटना में 9 पुलिस जवान शहीद व 02 जवान घायल हुए थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 February 2023

sukma,  Naxalites surrender , Chhattisgarh

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में पुलिस अधीक्षक सुनील शर्मा की उपस्थिति में तीन लाख के इनामी सहित 33 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण कर दिया। सुकमा जिला पुलिस ने मंगलवार देर रात एक बयान में यह जानकारी दी।आत्मसमर्पण करने वाले सभी नक्सली किस्टाराम थाना क्षेत्र में घटित विभिन्न नक्सली गतिविधियों में शामिल रहे हैं। पुलिस अधीक्षक शर्मा के अनुसार विगत सप्ताह जिले के अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र तोंडामरका और डब्बामरका में नवीन सुरक्षा कैंपों की स्थापना की गई है। कैंपों की स्थापना के साथ क्षेत्र में हो रहे विकासात्मक कार्यों से प्रभावित होकर नक्सली बड़ी संख्या में मुख्यधारा से जुड़ रहे हैं। डब्बामरका में खुले नए कैंप में आयोजित जन दर्शन शिविर में बड़ी संख्या में ग्रामीणों की उपस्थिति के बीच 33 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया। उन्होंने बताया कि पहली बार जवानों के सहयोग से यहां सोमवार को ग्रामीणों का आयुष्मान कार्ड बनाया गया। स्वास्थ्य शिविर लगा कर लोगों का इलाज भी किया गया। शिविर में डब्बामरका एवं आसपास के क्षेत्र के ग्रामीण बड़ी संख्या में शामिल हुए। शिविर में आये ग्रामीणों को सीआरपीएफ के डॉक्टरों की टीम द्वारा स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं जैसे सर्दी-जुकाम, बीपी, कमर दर्द, पीठ दर्द एवं मौसमी बीमारियों का परीक्षण कर दवाइयां दी गईं। कैंप शुरू होने से क्षेत्र में होने वाले विकासात्मक कार्य जैसे कि सड़क निर्माण, बिजली, पानी, स्वास्थ्य सुविधा, दूरसंचार, पीडीएस, शिक्षा, शासकीय भवन निर्माण एवं अन्य मूलभूत बुनियादी सुविधाओं के बारे में भी ग्रामीणों को जानकारी दी गई। पुलिस अधीक्षक शर्मा ने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले सभी नक्सलियों को राज्य शासन की पुनर्वास नीति के तहत सहायता राशि और अन्य सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। बस्तर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी. के नेतृत्व में संचालित नक्सल विरोधी मुहिम के सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। अधिकारियों ने बताया कि क्षेत्र में कैंप खुलने से पानी, बिजली, शिक्षा, चिकित्सा, दूरसंचार और शासकीय भवनों के निर्माण में तेजी आई है। आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों का कहना है कि विकास की संभावनाओं को देखते हुए वह नक्सलवादी रास्ते को त्यागकर विकास की मुख्यधारा से जुड़ रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 February 2023

sukma, Naxalite ,surrendered

सुकमा। जिले के चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत नक्सल प्रभावित चिंतागुफा इलाके में सक्रिय एक लाख के इनामी नक्सली चेतना नाट्य मंडली अध्यक्ष दुधी बुधरा ने रविवार को नक्सल ऑपरेशन कार्यालय में उप पुलिस अधीक्षक संजय सिंह एवं द्वितीय कमान अधिकारी सीआरपीएफ दीपक सिंह के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार एक लाख का इनामी दुधी 2018 में नक्सली संगठन में काम कर रहा था। वह नक्सलियों की चेतना नाट्य मंडली में सदस्य के रूप में नक्सली संगठन से जुड़ा था। आत्मसमर्पित नक्सली को प्रोत्साहन राशि के अलावा पुनर्वास नीति का लाभ मिलेगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 February 2023

sukma, Naxalites issued, press note , fake surrender

सुकमा। नक्सलियों के कोन्टा एरिया कमेटी के सचिव मंगडू ने प्रेस नोट जारी कर जिले के भेज्जी थाने में तीन इनामी महिला नक्सली सहित 10 नक्सली के फर्जी आत्मसमर्पण करने का आरोप पुलिस अधिकारी व भेज्जी थाना प्रभारी पर लगाया है।   नक्सलियों ने सोमवार को जारी प्रेस नोट में लिखा है कि सच्चाई यह है कि भेज्जी थाने में बुर्कलंका बोदरास गांव के सभी ग्राम वासियों को 26 जनवरी दोपहर 03 बजे भेज्जी थाना बुलाकर डरा धमकाकर तीन महिला सहित 10 आम जनता को अलग करके फोटो ग्राफी करने का आरोप लगाया गया है। सभी ग्रामीण साधारण रूप से अपने खेती पर निर्भर होकर जीवनयापन करने वाले हैं, नक्सलियों ने दावा किया है कि इनसे नक्सल संगठन का कोई लेना देना नहीं है। नक्सलियों ने आरोप लगाया है कि फर्जी आत्मसमर्पण कराके पैसा कमाने की योजना अपनाया गया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 January 2023

sukma, Jawan injured ,hit by IED

सुकमा। छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले के नक्सल प्रभावित इलाके के तर्रेम थाना क्षेत्र में माओवादियों द्वारा लगाई आईईडी ब्लाॅस्ट में एक जवान जख्मी हो गया है। जानकारी के मुताबिक बीजापुर- सुकमा सड़क पर पेगड़ापल्ली सीआरपीएफ कैम्प 153 से कुछ दूरी पर यह ब्लास्ट हुआ। शनिवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे नक्सल अभियान पर सुरक्षा बल निकले थे। इसी दौरान हुए ब्लास्ट में एएसआई मोहम्मद असलम पैर में गंभीर चोट आई है। घायल जवान को बासागुड़ा अस्पताल लाया गया जहां उनका इलाज जारी है। उनके बेहतर उपचार के लिए चॉपर से रायपुर रिफर करने की तैयारी की जा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 January 2023

छात्राओं ने जाना अभिव्यक्ति ऐप्प के बारे में

   अभिव्यक्ति ऐप्प से महिलाएं बिना थाना जाए ही अपनी शिकायत दर्ज करा सकती है अंतर्राष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन कार्यक्रम के अन्तर्गत विकासखंड स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन कन्या हायर सेकंडरी परिसर कोंटा में किया गया। जिसमें उपस्थित बालिकाओं को यातायात प्रभारी के द्वारा सड़क दुर्घटना से बचने के लिए यातायात नियमों का पालन करने एवं एहतियात बरतने की जानकारी दी गई। वहीं महिला थाना प्रभारी  पदमा जगत ने छात्राओं को आत्म रक्षा के तरीके बताए और महिलाओं की सुरक्षा के लिए अभिव्यक्ति ऐप्प की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अभिव्यक्ति ऐप्प के माध्यम से महिलाएं बिना थाना जाए ही अपनी शिकायत दर्ज करा सकती है। जिस पर पुलिस प्रशासन द्वारा यथासंभव कार्यवाही की जाएगी। जिला महिला बाल विकास विभाग से महिला संरक्षण अधिकारी  प्रमिला सिंह ने छात्राओं को सखी सेंटर के संबंध में जानकारी दी। साथ ही महिला एवं बालिका अपराध के संबंध में सखी केंद्र सुकमा की सहायता लेने लेने कहा। इस कार्यकम में कन्या परिसर के शिक्षक एवं शिक्षिकाओं ने भी सहभागिता निभाई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 November 2022

नेशनल ट्राइबल स्काउट गाइड रोवर रेंजर्स कार्निवल 2022

कार्निवल में विभिन्न प्रदेशों एवं जिलों के स्काउट्स गाइड्स ने लोक नृत्यों पर दी शानदार प्रस्तुति जिला मुख्यालय स्थित मिनी स्टेडियम में कार्निवल के दूसरे दिन लोक नृत्य स्पर्धा पर केन्द्रित था। लगभग दो घण्टों तक चले यह रंगारंग लोक सांस्कृतिक कार्यक्रम जिले वासियों के लिए अविस्मरणीय रहेगा। रंगीन संतरंगी बल्बों से सजे मंच पर अपनी प्रतिभा को प्रदर्शित कर रहे स्काउट गाइड और रोवर्स रेंजर्स ने अपने नृत्य कौशल से गहरी छाप छोड़ी। कार्निवल के दूसरे दिवस पर मुख्य अतिथि बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं विधायक बस्तर लखेश्वर बघेल एवं विधायक अंतागढ़ अनूप नाग रहे।     इस क्रम में मध्य प्रदेश के स्काउट गाइड द्वारा सर्वप्रथम बैगा नृत्य की प्रस्तुति दी गई। बैगा जनजाति द्वारा विशेष अवसरों पर किए जाने वाले इस लोकनृत्य को स्काउट गाइड ने परंपरागत वेशभूषा से सुसज्जित होकर लोक धुन में थिरकते हुए मोहक अंदाज में प्रस्तुत किया। इसके पश्चात    ् केन्द्र शासित प्रदेश दादरा एवं नगर हवेली के स्काउट्स गाइड्स ने सधे हुए पद संचालन एवं लोक वाद्य यंत्रों के मधुर संगीत के बीच कार्यक्रम में चार चांद लगाया, बीच बीच में संगीत के मध्य शारीरिक करतब इस लोक नृत्य की प्रमुख विशेषता रही।     इसके साथ ही ओड़िशा के दल के तीर कमान धारी बालकों और ठेठ क्षेत्रीय परिधान में सजी धजी बालिकाओं ने ओड़िशा के ग्रामीण परिवेश की संस्कृति को नृत्य के माध्यम से जीवंत कर उपस्थित अतिथियों को मंत्रमुग्ध कर दिया। समवेत एवं उर्जावान नृत्य शैली के बीच हाथ पैर के परिचालन और आकर्षक भाव भंगिमा से सराबोर यह नृत्य बेजोड़ रहा और दर्शकों की खूब वाहवाही लूटी।     इसके साथ ही सेन्ट्रल रेलवे की टीम ने छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध सरगुजिया नृत्य, ईस्ट कोस्ट रेलवे ने ओड़िया लोकनृत्य, छत्तीसगढ़ ने गोण्डी लोकनृत्य, उत्तर प्रदेश द्वारा कीर्तन शैली, साउथ ईस्टर्न रेलवे की टीम द्वारा संथाली नृत्य की प्रस्तुति दी गई। इसके अलावा लोकनृत्य कार्यक्रम के पूर्व मुख्य अतिथियों के आगमन के पश्चात् स्काउट्स गाइड्स के परंपरा अनुसार कैम्पफायर का आयोजन किया गया। सेवाभाव और अनुशासन छात्र जीवन और व्यक्तित्व विकास में बेहद जरुरी- लखेश्वर बघेल     इस मौके पर अपने सारगर्भित उद्धबोधन में मुख्य अतिथि लखेश्वर बघेल ने कहा कि छात्र जीवन में सेवाभाव और अनुशाासन बेहद आवश्यक होता है। इसके मद्देनजर यह कार्निवल ना केवल छात्रों के व्यक्तित्व विकास बल्कि उन्हें एक बेहतर नागरिक बनाने में मददगार सिद्ध होगा। सुकमा जैसे दूरस्थ अंचल में आयोजित इस राष्ट्रीय स्तर के आयोजन से पूरा क्षेत्र गौरवान्वित है और उन्हे पूरा विश्वास है कि इतने वृहद सफल आयोजन से जिले के संबंध में पूर्व मानसिकता और धारणा मिटेगी और एक सकारात्मक छवि का निर्माण होगाा। इसके लिए उन्होंने जिला प्रशासन, स्थानीय जनप्रतिनधियों और देश के विभिन्न हिस्सों से आए स्काउट्स गाइड्स के पदाधिकारियों को बधाईयां एवं शुभकामना दी।     इस क्रम में विधायक अंतागढ़ अनूप नाग ने भी छात्रों एवं अधिकारी कर्मचारियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कार्निवल का आयोजन जिले के लिए गौरव का पल है और उससे जिले को नई पहचान मिलेगी। उन्होंने विशेष रुप से स्काउट्स गाइड्स को जाबाज की संज्ञा देते हुए कहा कि उन्होंने पूर्वाग्रह से मुक्त होकर सुकमा जैसे दूरस्थ अंचल में आने के लिए अपनी सहमति दी और उन्हें पूरा विश्वास हो गया होगा कि बस्तर क्षेत्र वास्तव में शांति का ही टापू है।     कार्यक्रम में अन्य वक्ताओं ने भी स्काउट्स गाइड्स एवं उनके अधिकारी कर्मचारियों की इस आयोजन के संबंध में भूरि-भुरि प्रशंसा की।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 November 2022

सुकमा में दो आरक्षकों के बीच जमकर चले लात-घूसे

  दोनो आरक्षक लाइन अटैच ,प्रभारी एसआई भी लाइन अटैच  छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में दो आरक्षकों के बीच जमकर चले लात-घूसे, चप्पल से पिटाई कर दी जिसका  वीडियो  वायरल हो रहा है। जिले के नक्सल प्रभावित गोलापल्ली थाने में सोमवार को कुछ मामूली बात को लेकर दोनो आरक्षकों के बीच मारपीट हो गई। जिसका वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है। इधर मामले में एसपी सुनील शर्मा ने दोनों आरक्षकों को लाइन अटैच कर जांच के निर्देश दिए है। सोमवार को गोलापल्ली थाने में वहाँ के कुछ ग्रामीण समस्या को लेकर पहुँचे थे। जहां ग्रामीणों की समस्याओं को सुलझाते हुए प्रधान आरक्षक मंगलू राम दुग्गा व सहायक आरक्षक मड़कम जोगा आपस मे उलझ गए और मारपीट करने लगें। जिनका वहां खड़े जवान व ग्रामीणों ने बीच बचाव किया। वहां किसी ग्रामीण ने इस घटनाक्रम का वीडियो बना दिया जिसके बाद सोशल मीडिया में वायरल होने लगा। उधर पता चलते ही एसपी सुनील शर्मा ने दोनो को लाइन अटैच कर दिया साथ ही वहां के प्रभारी एसआई को भी लाइन अटैच कर दिया गया। और जांच के आदेश दिए। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 October 2022

आदिवासी हित की सुरक्षा राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता

चिंतलनार, बुरकापाल, मुकरम में ग्रामीणों से भेंट-मुलाकात कर स्थानीय समस्याओं से हुए अवगत   उद्योग एवं आबकारी मंत्री लखमा आज सुकमा जिले के कोंटा विकासखंड के ग्राम चिंतलपुर पहुंचे। वनांचल का यह दूरस्थ गांव नगर पंचायत दोरनापाल से 44 किलोमीटर दूर है। मंत्री लखमा यहां तक सड़क मार्ग से पहुंचे और आम जनता से मुलाकात की। ग्रामीणों की मांग पर उन्होंने चिंतलनार में कन्या आश्रम के लिए दो करोड़ रूपये, सामुदायिक भवन के लिए 20 लाख रुपए और दुर्गा समिति भवन के लिए 6 लाख रूपये की मंजूरी दी। मंत्री लखवा ने ग्रामीणों से चर्चा करते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ सरकार आदिवासियों के हित के लिए प्राथमिकता से कार्य कर रही है। आदिवासी हितों की सुरक्षा राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता में है। आदिवासियों से जुड़े जल, जंगल, जमीन की सुरक्षा और उनके हक को सुरक्षित रखने के लिए भी सरकार द्वारा सतत कार्य कर रही है। उन्होंने चर्चा के दौरान सड़क सुविधाओं के विकास, परिवहन सुविधा, निर्बाध विद्युत आपूर्ति आदि के संबंध में भी चर्चा की।मंत्री लखमा ने आज चिंतलनार, मुकरम, बुरकापाल, तेमेलवाडा, पुसवाड़ा, कांकेरलंका, पोलमपल्ली सहित अन्य स्थानों पर भेंट-मुलाकात किया। भेंट-मुलाकात के दौरान जिला पंचायत उपाध्यक्ष बोडू राजा, जिला पंचायत सदस्य आदम्मा मरकाम, करतम मुया एवं अन्य जनप्रतिनिधि, प्रशासनिक एवं पुलिस विभाग के अधिकारी गण उपस्थित थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 September 2022

इनामी नक्सल दम्पति ने आत्मसमर्पण किया

   पुना नर्कोम अभियान का असर दिखा  नक्‍सल प्रभावित सुकमा में नक्‍सलियों के खिलाफ  पुना नर्कोम अभियान चलाया जा रहा है।जिसका अब असर दिखना शुरू हो गया है।अभियान के तहत सक्रिय नक्सल दम्पति ने आत्मसमर्पण किया है। दोनों आत्‍मसमर्पित नक्‍सलियों पर 8- 8 लाख का इनाम घोषित है। आत्‍मसमर्पण करने वाले नक्‍सल दम्पति में पुरुष नक्सली मुत्ता उर्फ सुक्कू 16 साल और पत्नी सवलम गंगी 10 वर्ष से सक्रिय थे।  ये दोनों आत्‍मसमर्पित नक्‍सली ताड़मेटला, तोड़मरका समेत दर्जनभर घटनाओं में शामिल थे। टेकलगुड़ा घटना में नक्सली लीडर हिड़मा के गनमैन में तैनात था। आपको बता दें जवानों को नकसलियों के खिलाफ कामयाबी भी मिली थी। इनामी नक्सली हड़मा उफ सनकू को मार गिराया। हड़मा 2003 से नक्सल संगठन में सक्रिय था। वर्तमान में वह माड़ डिवीजन के सदस्य के तौर पर काम कर रहा था। वह दो दर्जन से अधिक नक्सल घटनाओं में शामिल था। मुठभेड़ स्थल से पिस्टल और भरमार बंदूक व अन्य सामान भी मिला है। अब इस अभियान ने रंग लाया।  और इनामी दंपत्ति ने सरेंडर कर दिया।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 August 2022

डीआरजी और नक्सलियों के बीच मुठभेड़

पांच लाख का एक इनामी नक्सली मारा गया   दंतेवाड़ा में  नक्सल उन्मूलन अभियान में सुरक्षा बल मुस्तैदी से जुटा है।नक्‍सल प्रभावित सुकमा जिले के भेज्जी इलाके में डीआरजी और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो गई। जिसमें पांच लाख का एक इनामी नक्सली मारा गया। मारा गया नक्सली डीवीसी सदस्य हड़मा बताया जा रहा है। एसपी सुनील शर्मा ने की पुष्टि। बताया जा रहा है कि  मुताबिक सुबह 6 बजे भेज्जी इलाके के पटेलपारा और बंकूपारा पास नक्सलियों व डीआरजी जवानों के बीच मुठभेड़ हुई है। जिसमे एक नक्सली मारा गया और नक्सलियों को गोली लगने की खबर है। मारे गए  हड़मा मारा गया जिसका शव बरामद किया गया। शुक्रवार को दंतेवाड़ा और सुकमा के सीमावर्ती इलाके के नहनीगुडरा के जंगलों में डीआरजी जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में पांच लाख का इनामी नक्सली राकेश मड़कम ढेर हुआ। नक्सली के पास से हथियार भी बरामद किया गया था। मुठभेड़ में एक नक्सली मारा गया है। गौरतलब है कि बीते दो से तीन साल में पुलिस आपरेशन मानसून चलाती आ रही है। इसके लिए बस्तर पुलिस समेत अर्धसैन्य बलों के जवानों को स्पेशल ट्रेनिंग भी दिलाई गई है। बारिश में नक्सल विरूद्ध नए टेक्टिस से पुलिस को लगातार कामयाबी मिल रही है। वहीं उनके आधार क्षेत्र तक सुरक्षा बल के जवान सर्च आपरेशन कर रहे हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 August 2022

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

लोगों का वर्दी के प्रति बढ़ा है विश्वास  सुकमा में जवानो के चलते  सरकार ने कई विकास कार्य किये। वर्दी के प्रति लोगों में विश्वास बढ़ा है।  मंगलवार को भेंट- मुलाकात कार्यक्रम के लिए पहुचे प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पुलिस लाइन में आफिसर मेस का उद्धघाटन किया उसके बाद वहां सहायक आरक्षक के परिजनों व दुर्गा फाइटर की कमांडो से मुलाकात की। दुर्गा फाइटर की महिला कमांडो ने बताया कि अब जिले के अंदरूनी इलाको में कैसे हालात बदल रहे है। ग्रामीण व महिलाएं पुलिस पर विश्वास कर रहे है। सुकमा में पिछले तीन सालों में बदलाव देखा जा रहा है।  सबसे बड़ा बदलाव यह आया है कि जो वर्दी के प्रति भय था वो अब सुरक्षा में तब्दील हो गया है। अंदरूनी इलाको में विकास के कार्य हुए हैं। हमारे आने-जाने के लिए  सड़क बनी है।  वो है। और जो कैंप खुले है वो हमारे हित के लिए है और ये वर्दीधारी जवान हमारी सुरक्षा के लिए है ये बड़ा बदलाव आया है। बता दें की ये बातें  दुर्गा फाइटर की कमांडो से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कही। साथ ही हम लोगो को भी काफी अच्छा महसूस कर रहे है क्योंकि हम लोग सिर्फ ऑफिस ड्यूटी ही कर रहे थे लेकिन अब डीआरजी जवानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करना चाहते है। वही आरक्षकों के परिजनों ने भी मुख्यमंत्री को धन्यवाद ज्ञापित किया। उसके बाद आरक्षकों के बच्चो ने सीएम का गुलाब फूल से स्वागत किया और परिजनों ने उपहार तोर पर भेंट दी। इस मौके पर  कमांडो ने मुख्यमंत्री के साथ फ़ोटो खिंचवाई। आरक्षकों के परिजनों  को कार्यक्रम को लेकर काफी उत्साह देखने को मिला।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 May 2022

sukma,  tribal society , boycott the program , Chief Minister

  सुकमा। जिले के आदिवासी भवन में सर्व आदिवासी समाज द्वारा विगत दिनों आयोजित बैठक में 18 मई को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सुकमा प्रवास व मुख्यमंत्री के कार्यक्रम का सर्व आदिवासी समाज शांतिपूर्ण तरीके से बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। सर्व आदिवासी समाज का कहना कि समाज प्रमुखों द्वारा अपनी जायज 20 सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री व क्षेत्रीय विधायक व आबकारी मंत्री कवासी लखमा से मुलाकात के बाद भी समाज की मांगों को गंभीरता से नहीं लिया, जिसके कारण सर्व आदिवासी समाज ने यह निर्णय लिया है।   सर्व आदिवासी समाज सुकमा के ब्लॉक अध्यक्ष संजय सोढ़ी ने गुरुवार को बैठक के संबंध बताया कि सर्व आदिवासी समाज ने सुकमा जिला के ग्रामीणों से मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बहिष्कार की अपील की हैं। सरकार ने समाज के साथ वादा खिलाफी किया है। भूपेश सरकार व मंत्री कवासी लखमा ने समाज की मांगों को पूरा करने का वादा किया था, लेकिन सर्व आदिवासी समाज द्वारा सुकमा कलेक्टर घेराव के 50 दिन बाद भी बस्तर मूल समाज के 20 सूत्रीय मांगों पर क्षेत्रीय विधायक व आबकारी मंत्री कवासी लखमा के आश्वासन के बाद भी सरकार के तरफ से कोई भी प्रतिक्रिया सामने नहीं आ रही है और न ही एक भी मांग पूरा किया गया है। जिसके चलते बीते दिनों समाज के मांगों को गंभीरता से न लेकर नजर अंदाज किया गया है, जो आदिवासी समाज के साथ छलावा है। जिसके चलते सर्व आदिवासी समाज ने निर्णय लिया है कि आने वाले समय में सुकमा में मुख्यमंत्री के दौरे में व सभा में ग्रामीणों को दूरी बनाए रखने की अपील समाज कर रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 May 2022

sukma, Government funds, Chhindgarh , Deepika

सुकमा। भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष व अधिवक्ता दीपिका शोरी ने सोमवार को प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए बताया कि जिले के भूसंरक्षण विभाग में पिछले कई वर्षों से लगातार बड़े पैमाने पर की जा रही अनियमितताओं के लिए विभाग के सहायक संचालक कैलाश मरकाम की विशेष भूमिका का आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले कई वर्षों से सुकमा जिले का भूसंरक्षण विभाग में भ्रष्टाचार अपने चरम में पहुंच गया है। विभाग में सक्रिय दलाल अपने तरीके से कार्य कर किसानों के हित में होने वाले कार्यों में अधिकारियों के साथ संलिप्त होकर शासकीय राशि का बंदरबांट कर रहे हैं। जिसकी जानकारी होते हुए भी विभागीय अधिकारी आंख बंद कर बैठे हुए हैं, जिससे यह स्पष्ट है कि इस विभाग में दलालों को सत्तापक्ष का संरक्षण प्राप्त है। उन्होंने कहा कि मैंने स्वयं सारे कार्यों का अवलोकन कर किसानों से इस विषय में चर्चा किया है। जिससे पता चला कि करोड़ों के निर्माण तो हो गया पर धरातल पर लाभ शून्य है। दीपिका शोरी ने सहायक संचालक कैलाश मरकाम पर आरोप लगाते हुए कहा कि किसानों के हित में चलाई जा रही राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी तथा आदर्श कही जाने वाली योजना नरवा, गरुवा, घुरवा, बाड़ी योजना को लेकर कांग्रेस की भूपेश सरकार अपनी पीठ थपथपा रहा है। लेकिन कैलास मरकाम के द्वारा शासन द्वारा स्वीकृत इन विभागीय कार्यों को दलालों एवं रसूखदार लोगों के साथ मिलकर गुणवत्ताहीन निर्माण कर शासन को करोड़ों का चूना लगा चुके हैं। दीपिका ने बताया कि छत्तीसगढ़ शासन एवं ग्रामीण विकास विभाग रायपुर के द्वारा मनरेगा योजना के तहत 2018 में छिंदगढ़ विकासखण्ड के विभिन्न ग्राम पंचायतों में एक करोड़ 65 लाख 97 हजार की लागत से चिपुरपाल के पोंदुम नाला में पांच, मुर्रेपाल में एक व मेंखावाया में एक कुल 07 स्थानों पर स्टॉपडेम व चेकडेम निर्माण कार्य स्वीकृत किए गए परन्तु इस विभाग के अधिकारियों एवं दलालों के कारण सभी कार्यों का निर्माण गुणवत्ताहीन होने के कारण किसानों को इसका समुचित लाभ नहीं मिल पा रहा है। कार्यों में बड़े स्तर पर तकनीकी त्रुटियां भी की गई हैं।   दीपिका ने बताया कि लगातार अनियमितता की शिकायत मिलने पर मैंने इस विषय मे सूचना के अधिकार के तहत जनवरी 2021 में जानकारी मांगी थी, समय पर जानकारी नही देने पर मैंने पुन: आवेदन दिया था। जब मैंने जानकारी हेतु बार-बार आवेदन लगाया तो इन्ही के चाहने वाले दलालों में से एक ने जानकारी के एवज में सेटिंग कराने का भी ऑफर दिया। परन्तु जब मैंने स्पष्ट तौर पर मना कर दिया व कहा कि दोबारा ऐसी बात करोगे तो कोर्ट में नजर आओगे तो दलाल ने काल करना बंद कर दिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 April 2022

sukma, constable posted ,police line , murdered

सुकमा। जिले के कुकानार क्षेत्र अंर्तगत ग्राम बोदरास में बीती रात करीब 02 बजे सुकमा पुलिस लाईन में पदस्थ आरक्षक लखेश्वर नाग की धारदार हथियार से हत्या कर हत्यारे फरार हो गये।घटनास्थल में किसी भी प्रकार का नक्सली पर्चा पुलिस को नहीं मिला है। सूचना पर रविवार सुबह कुकानार के थाना प्रभारी मनीष मिश्रा के साथ एसडीओपी ,घटनास्थल पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लेकर आवश्यक कार्यवाही कर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बोदरास निवासी आरक्षक लखेश्वर नाग अपने गांव में आयोजित मेला में शामिल होने आया हुआ था। मेले से लौटने के दौरान अज्ञात हत्यारों ने धारदार हथियार से आरक्षक की हत्या कर दी। आरक्षक के हत्या के पीछे नक्सलियों के हाथ होने का आरोप ग्रामीणों ने लगाया है। इस घटना की पूरी जानकारी ग्रामीणों ने पुलिस को दी है। घटनास्थल से नक्सली पर्चा पुलिस को नहीं मिला है।जांच के बाद स्पष्ट होगा कि आरक्षक की हत्या नक्सलियों ने किया है,या अन्य किसी ने। वैसे प्रथम दृष्टया नक्सलियों द्वारा इस हत्याकांड को अंजाम देने की बात कही जा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 March 2022

sukma, Five kg IED recovered ,road construction site

सुकमा। जिले के तोंगपाल थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत ताहकवाड़ा के अंदरूनी इलाके में ग्राम उपलंका एवं बेंगपाल के बीच सड़क निर्माण सुरक्षा पर निकले जिला बल, सीआरपीएफ एवं छस बल की संयुक्त टीम ने शनिवार को नक्सलियों द्वारा सड़क निर्माण कार्य स्थल पर लगाये गये पांच किलो का आईईडी बरामद किया है, जिसे सुरक्षित निकालकर उसी स्थल पर नष्ट कर दिया गया। जवानों को नुकसान पहुंचाने की नक्सली साजिश को सतर्कता से जवानों ने नाकाम कर दिया। सुकमा एसपी सुनील शर्मा ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि जनवरी से जून माह तक नक्सलियों द्वारा टीसीओसी कैम्पेन चलाया जाता है, जिसमें सुरक्षाबलों को एम्बुश में फंसाकर नुकसान पहुंचाने का नक्सली साजिश करते हैं। इस दौरान सुरक्षाबल सतर्कता बरतते हुए नक्सलियों के नापाक मंसूबों नाकाम करते हुए कार्रवाई कर रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 March 2022

sukma, 28 jawans , CRPF 150th Battalion ,admitted

सुकमा। जिले के चिंतागुफा थाना क्षेत्र के सीआरपीएफ कैंप के 150 वीं बटालियन के सी कंपनी के 28 जवान फूड प्वॉइजनिंग का शिकार हो गए हैं। बताया जा रहा है कि गुरुवार की रात कैंप में खाना खाने के बाद जवानों की तबियत बिगड़नी शुरू हो गई थी। जवानों को पेट में दर्द, उल्टी जैसे लक्षण दिखने लगे, जिसके बाद सभी जवानों को सीआरपीएफ के फील्ड अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां सभी 28 जवानों का उपचार चल रहा है, बीमार सभी जवान खतरे से बाहर हैं।   प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार की रात को कैंप में जवानों के लिए विशेष दावत थी। हर दिन की अपेक्षा अलग-अलग तरह के पकवान बनाए गए थे। जवानों ने भी जमकर दावत उड़ाई, इसके बाद सबकी तबियत खराब होने लगी। सीआरपीएफ के अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं। बीमार जवान सीआरपीएफ के डॉक्टर की निगरानी में है, सभी की स्थित सामान्य बताई जा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 March 2022

sukma, Three naxalites arrested , reward of one lakh

सुकमा। जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत जिला बल की संयुक्त टीम नक्सली गतिविधि की सूचना पर आरओपी के दौरान सीआरपीएफ कैम्प से नरसापुरम की ओर रवाना हुये थे, अभियान के दौरान मिलियमपल्ली चौक के पास से 1 महिला नक्सली केएएमएस सदस्य भीमे उर्फ सामली पति कुंजाम पाण्डू के साथ उसके पति मिलिशिया डिप्टी कमाण्डर कुंजाम पाण्डू एवं एक लाख की ईनामी नक्सली कुंजाम बण्डी एलओएस सदस्य को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार तीनों नक्सलियों के कब्जे से विस्फोटक सामग्री व नक्सली साहित्य, धारदार बंडी बरामद किया गया है।   गिरफ्तार नक्सलियों पर सुरक्षाबलो पर फायरिंग करने, आईईडी विस्फोट करने का अपराध पंजीबद्ध है। इसी प्रकार कुंजाम बंडी थाना चिंंतागुफा क्षेत्रांतर्गत 27 अप्रैल 2021 को ताड़मेटला मिनपा जंगल के बीच हुए पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शामिल था। तीनो को गिरफ्तार कर आज न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर जेल दाखिल किया गया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 March 2022

sukma, Naxalites attacked, Elmagunda camp

सुकमा। जिले के चिंतागुफा थाना क्षेत्र अंर्तगत ग्राम एलमागुंडा में एक माह पहले ही खोले गए सीआरपीएफ कोबरा बटालियन के कैंप में नक्सलियों ने सोमवार की सुबह लगभग 6.10 बजे हमला कर दिया। नक्सलियों की ओर से की गई फायरिंग में तीन जवानों के घायल होने की सूचना है। कैंप में हुए हमले की अधिकारिक विस्तृत जानकारी मिलना बाकी है।सुकमा पुलिस ने हमले की पुष्टि की है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सीआरपीएफ कोबरा बटालियन के एलमागुंडा कैंप में आज सुबह नक्सलियों ने फायरिंग कर दी। अचानक हुए इस हमले पर जवानों की जवाबी कार्रवाई से कुछ देर बाद नक्सली वहां से भाग खड़े हुए। नक्सलियों की इस फायरिंग में हेड कांस्टेबल हेमंत चौधरी, कांस्टेबल बसप्पा और कांस्टेबल ललित बाघ घायल हुए हैं। सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उल्लेखनीय है कि सीआरपीएफ कोबरा बटालियन का एलमागुंडा कैंप चिंतागुफा से करीब 12 किमी. तथा पश्चिम दिशा में मीनपा कैंप से करीब 5.5 किमी. दक्षिण में स्थित है। यह इलाका जिले का सबसे ज्यादा नक्सल संवेदनशील माना जाता है, इस कैंप के खुलने से नक्सलियों में बौखलाहट है। यहां पर ग्रामीणों और जवानों ने साथ मिलकर 02 दिन पहले होली मिलन समारोह का आयोजन किया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 March 2022

sukma, 24 Naxalites ,surrender along , ten women Naxalites

सुकमा। जिले के किस्टारम थाना क्षेत्र अंतर्गत पोटकपल्ली में नए सीआरपीएफ कैंप में नक्सल उन्मूलन अभियान पूना नर्कोम (नई सुबह, नई शुरुआत) के तहत 24 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण कर दिया है। आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों में 10 महिला नक्सली भी शामिल हैं। पोटकपल्ली कैंप में पुलिस के अधिकारियों ने रविवार दोपहर बाद होली मिलन समारोह आयोजित किया था। इस अवसर पर पोटकपल्ली के 100 से 120 ग्रामीणों ने नक्सली संगठन से जुड़े 24 सदस्यों को पोटकपल्ली कैंप में लाकर आत्मसमर्पण करवाया है।एसपी सुनील शर्मा ने सोमवार को इसकी पुष्टि की है। आत्मसमर्पित नक्सलियों के जनमिलिशिया सदस्यों में सोड़ी कोसा, वेट्टी हड़मा, माड़वी आयता, ओयम जोगा, वेट्टी हुंगा, वेट्टी भीमा, मड़कम हांदा, सोड़ी हुंगा, सोड़ी भीमा, वेट्टी देवा, वेको देवा, वेट्टी गंगा, सोड़ी हिड़मा, वेट्टी जोगा, वेट्टी भीमें, वेट्टी नंदे, वेट्टी मुये, वेट्टी देवे, किच्चे भीमें, किच्चे रामे, माड़वी हुंगी, सोड़ी सोमड़ी, सोड़ी सोमड़ी, वेट्टी मासे सभी नक्सली जनमिलिशिया सदस्य किस्टाराम में अलग-अलग नक्सली घटनाओं में शामिल रहे हैं। सभी समर्पित नक्सलियों को प्रोत्साहन राशि दी गई है, सरकार की पुनर्वास नीति के तहत अन्य सुविधा भी जल्द उपलब्ध करवाई जायेगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 March 2022

sukma, Poona Narkom ,Pathshala started, Pottakpalli Camp

सुकमा। जिले के ग्राम पोट्टकपल्ली में नक्सल उन्मूलन पूना नर्कोम अभियान के तहत बच्चों के लिए पूना नर्कोम की पाठशाला की सौगात दी गई है। ग्राम पोट्टकपल्ली में नये कैम्प स्थापित होने के साथ ही नक्सल उन्मूलन के साथ-साथ गांव, ग्रामीणों व बच्चों के सर्वागीण विकास के लिए स्कूल विहीन ग्राम में पाठशाला का निर्माण कर शुक्रवार से 58 बच्चों को राइटिंग बोर्ड, यूनिफॉर्म, बैग, कॉपी किताब, चार्ट, लेखन सामग्री, वाटर बोतल वितरण कर स्कूल का शुभारंभ किया गया। कमांडेंट 208 कोबरा जितेन्द्र ओझा द्वारा बच्चों को बैग, कॉपी, लेखन सामग्री, दरी, पानी बोतल आदि प्रदाय किया गया। नियमित स्कूल व पढ़ाई करवाने के लिए शिक्षा विभाग से समन्वय स्थापित कर शिक्षक आर. श्रीनिवास को इसके संबंध में अवगत कराया गया हैं। स्कूल के शुरू होने व पढ़ाई सामग्री मिलने से बच्चे बहुत खुश हैं और पढ़ने लिखने के लिए उत्सुक दिखे। पुलिस फोर्स द्वारा शिक्षक की भूमिका का निर्वहन समय-समय पर किया जाएगा और निरंतर योगदान जारी रहेगा। उपरोक्त कार्यक्रम में टूआईसी 212 पीके.साहू , 208 श्री चौधरी व अन्य अधिकारी, थाना प्रभारी किस्टाराम भावेश शेन्डे, उपनिरीक्षक दीपक ठाकुर, उत्तम सोरी, संदीप मांडले, मडकम मुद्राज, प्रधान आर.ग्वाल सिंग उसेण्डी, नुप्पो बंडी, ग्राम पटेल मडकम इंगा व अन्य ग्रामीण उपस्थित थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 March 2022

Sukma, Six Naxalite ,militia members ,surrender

सुकमा। जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत सीआरपीएफ डीआईजी योज्ञान सिंह, पुलिस अधीक्षक सुनील शर्मा के समक्ष 6 नक्सली मिलिशिया सदस्यों करटम कोसा, सोड़ी लखमा, कवासी देवा, कवासी मंगा, पदम सोमडू और माड़वी गंगा ने आज आत्मसमर्पण कर दिया है। आत्मसमर्पित नक्सलियों ने नक्सली संगठन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि, बाहरी नक्सलियों द्वारा स्थानीय ग्रामीणों का शोषण किया जाता है। स्थानीय आदिवासियों पर होने वाले हिंसा से तंग आकर समाज की मुख्यधारा के जुड़ने का मन बनाया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 March 2022

sukma, Naxalites set , highway vehicle , fire in broad daylight

सुकमा। जिले के किस्टारम थाना क्षेत्र अंर्तगत ग्राम धर्मापेंटा के पास सड़क निर्माण कार्य मे लगी एक हाइवा वाहन को दिन दहाड़े नक्सलियों ने गुरुवार को आग के हवाले कर दिया है।नक्सलियों का सबसे आसान शिकार वाहन होता है, जिसे आग के हवाले कर नक्सली अपनी मौजूदगी के साथ भय का वातावरण निर्मित करने के लिए आगजनी की घटना को अंजाम देते हैं। मिली जानकारी के अनुसार सड़क निर्माण कार्य के लिए सामान लेकर जा रही हाइवा वाहन को नक्सलियों ने ग्राम धर्मापेंटा के पास रोककर आग के हवाले कर दिया। जिससे पूरी हाइवा वाहन जलकर खाक हो गई है। बताया जा रहा है कि करीब 8 से 10 की संख्या में नक्सलियों ने घटनास्थल पहुंचकर इस वारदात को अंजाम दिया है। इस मार्ग से हाइवा वाहन के माध्यम से सड़क निर्माण काम के लिए गिट्टी की ढुलाई का काम किया जा रहा था। घटना की जानकारी मिलते ही घटना स्थल के लिए पुलिस बल को रवाना कर दिया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 March 2022

 jawan firing

दो जवानों की मौके पर ही हो गई मौत   दो जवानों ने  इलाज के दौरान तोड़ा दम तीन घायल को इलाज के लिए रायपुर भेजा   छत्तीसगढ़ में  जवान नक्सलियों के खिलाफ बड़ा  ऑपरेशन करने वाले थे |  ठीक उससे पहले कैम्प में गोलीबारी शुरू हो गई |  जिसमे दो जवान मौके पर ही शहीद हो गए  | दो ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया  |  यह गोलीबारी एक जवान ने ही की थी जिसे पकड़ लिया गया है  |  लिंगमल्ली कैंप से सुबह बड़ा आपरेशन लांच होना था  | तड़के चार बजे से जवान इसकी तैयारी में लगे थे | लेकिन उससे ठीक पहले अचानक कैंप में ताबड़तोड़ गोली चलने लगी और अफरा-तफरी मच गई  | साथ ही जवानों को लगा कि नक्सली हमला हुआ है लेकिन बाद में स्थिति साफ हुई कि गोलिबारो एक जवान ने ही की है | आरोपी जवान रितेश रंजन को पकड़ लिया गया, तब तक कैंप के दो जवान शहीद हो गए थे, बाकी बुरी तरह घायल थे  | सभी को सीमावर्ती  आन्ध्रप्रदेश के भद्राचलम ले जाया गया, जहां प्राथमिक उपचार शुरू हुआ  | लेकिन वहां पर दो और जवान की मौत हो गई | बाकी एक की स्थिति सामान्य है और दो को बेहतर इलाज के लिए हेलीकाप्टर से रायपुर भेजा गया  है  |  जानकारी के मुताबिक दो-तीन दिन पहले  आरोपी जवान  रितेश रंजन व अन्य जवानों के बीच हल्की नोक-झोक हुई थी |  जिस कारण उसने ये गोलीबारी की एसपी सुनील शर्मा ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि अलसुबह दुर्भाग्यजनक घटना घटित हुई है, जिसमें सीआरपीएफ के 4 जवान की मौत हो गई और 3 जवान घायल है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 November 2021

  Fierce fire

बाल्टी से आग काबू करने में लगी  फायर ब्रिगेट    वन विभाग की घोर लापरवाही के चलते लगी भीषण आग। बताया जा रहा है कि आग को बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड की टीम पहुंच गई , लेकिन पेड़ों और दुर्गम रास्तों की वजह से मौके तक नहीं पहुंच पा रही हैं।मौके पर पानी से भरी बाल्टी लेकर पहुंच रहे  फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों को आग बुझाने में काफी मशक्कत का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि, यह नाकाफी है और गर्मी व हवा के चलने की वजह से आग जंगल में फैलती जा रही है। आसमान में धुंए के बादल छा गए हैं।अधिकारियों की चिंता है कि अगर आग पर जल्द काबू नहीं किया गया, तो यह बड़े इलाके को अपनी चपेट में ले सकती है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 March 2021

 Naxalite

हमले में डिप्टी कमांडेंट हुए  शहीद   छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले से पुलिस ने पांच नक्सलियों को गिरफ्तार किया । सभी पर किस्टाराम क्षेत्र में बारूदी सुरंग लगाकर सुरक्षा बलों को निशाना बनाने का आरोप । इस हमले में सीआरपीएफ के डिप्टी कमांडेंट शहीद हो गए । पुलिस अधिकारियों ने बताया, टीम जब कासाराम गांव के पास गश्त पर थी, तभी तीन संदिग्ध व्यक्ति पुलिस दल को देखकर भागने लगे। इन्हें टीम ने घेराबंदी कर कोमराम, सोढ़ी गंगा  और माडवी देवा  को पकड़ लिया। तीनों जनमिलिशया के सदस्य हैं।  इनके पास से कोरडेक्स वायर, जिलेटिन की छड़ं, इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, आईईडी कन्टेनर, कुकर, टिफिन, विद्युत तार और बैटरी बरामद की है। गिरफ्तार नक्सलियों ने 13 दिसंबर को कासाराम गांव के जंगल में बारूदी सुरंग लगाई थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 December 2020

 Bodybuilder collector

युवाओं के प्रेणास्रोत हैं विनित नंदनवार   नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के कलेक्टर विनित नंदनवार की तस्वीरें सोशल मीडिया  पर जमकर वायरल हो रही हैं  |  सिक्स पैक एब्स और परफेक्ट बाडी  वाले कलेक्टर साहब सभी को आकर्षित कर रहे हैं |  सुकमा  कलेक्टर आईएएस विनित नंदनवार की बिना शर्ट के खिंचवाईं गई तस्वीरों को सोशल मीडिया में खूब तारीफ़ मिल रही हैं  |  पहल सुख निरोगी काया को सूत्र वाक्य मानने वाले सुकमा कलेक्टर विनित नंदनवार अपने स्वास्थ्य और स्वस्थ्य जीवनशैली को लेकर काफी गंभीर हैं  |  वे  सरकारी काम के बाद बचे समय का सदुपयोग  स्वस्थ जीवनशैली को बनाए रखने के लिए करते  हैं  | उनका कहना है    व्यस्तता हमेशा रहती है, लेकिन इतनी भी नहीं कि दिन में एक घंटा अपने आप  के  लिए भी नहीं निकाल सकें  | कलेक्टर नंदनवार की मेहनत का ही प्रतिफल है कि उनकी तस्वीरें आज-कल  देशभर में सोशल मीडिया के जरिये जमकर वायरल हो रही हैं  | उन्होंने बताया कि अगस्त में वह काम के दौरान कोविड संक्रमित भी हो गए थे |  इसके बाद एम्स में उनका इलाज हुआ और बीमारी से ठीक होने के बाद वापस पुरानी जैसी काया हासिल करने के लिए उन्होंने काफी मेहनत की  |  विनीत नंदनवार साल 2013 बैच के आईएएस अधिकारी हैं  |  नवंबर में सुकमा में तबादला होने से पहले वह करीब डेढ़ साल तक एडीएम रायपुर रहे  | इससे पहले वह गारियाबंद और धमतरी के जिला पंचायत सीईओ के पद पर भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं | उन्होंने बताया कि मेरा जन्म और लालन-पालन बस्तर-जगदलपुर में ही हुआ  | बस्त  के सरकारी स्कूल से 12वीं तक की पढ़ाई हुई है | नंदनवार ने  पीजी कालेज जगदलपुर  से पीसीएम से ग्रेजुएशन किया  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 November 2020

  IED Blast

घायल जवानो का रायपुर अस्पताल में चल रहा इलाज   छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में बारूदी सुरंग में हुए विस्फोट में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल  के एक सहायक कमांडेंट शहीद हो गए  | और दस जवान घायल हो गए  |  सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि सुकमा जिले के चिंतलनार थाना क्षेत्र के अंतर्गत ताड़मेटला गांव के पास जंगल में नक्सलियों ने  बारूदी सुरंग में विस्फोट कर दिया  | जिसके बाद वायुसेना के एमआई-17 वी5 हेलिकॉप्टर से  घायल जवानों को वहां से निकाला गया  | इस घटना में घायल सीआरपीएफ की 206 वीं कोबरा बटालियन के सहायक कमांडेंट   नितिन पी भालेराव शहीद हो गए  |  वहीँ दस जवान घायल भी हुए  |  घायल हुए  जवानों का रायपुर के अस्पताल में इलाज चल रहा है   बताया जा रहा है  सीआरपीएफ की पांच नई बटालियनों के शिविर लगाने के लिए यह दल इलाके का निरीक्षण कर रहा था | और इसी दौरान आईईडी विस्फोट हो गया  | शहीद भालेराव महाराष्ट्र के नासिक जिले के निवासी थे  |  वह 2010 में सीआरपीएफ में शामिल हुए थे और कोबरा बटालियन में 2019 में आए थे  | शहीद असिस्टेन्ट  कमाण्डेन्टट को रायपुर पुलिस लाईन मे  गार्ड  ऑफ आनर दिया गया  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 November 2020

  Nagarnar Plant

सोशल मीडिया पर चल रही खबर असत्य है     जगदलपुर में स्थित नगरनार प्लांट पर नक्सलियों सम्बंधित जानकारी को पुलिस अधीक्षक दीपक झा ने  गलत  बताते हुए कहा की | सोशल मीडिया में नगरनार प्लांट पर नक्सलियों की नजर है वाली खबर पूरी तरह असत्य है  |  इसके साथ ही  ठेकेदार से 50 लाख की मांग की भी जांच की गई  | जिसमे वह भी खबर पूरी तरह झूठी निकली | उन्होंने कहा  नगरनार स्टील प्लांट  सेफ जोन में है |  जगदलपुर में स्थित नगरनार प्लांट पर नक्सलियों की नजर है | इस प्रकार की खबरें कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर चल रही हैं |  इस मामले की जांच करने पहुंचे पुलिसकर्मी एवं पुलिस अधीक्षक दीपक झा ने जांच  में पाया कि यह पूरा मामला असत्य है  | पुलिस अधीक्षक दीपक झा ने बताया कि जो खबरें सोशल मीडिया में चल रही है वह पूरी तरह असत्य और  निराधार है | नगरनार थाना बिल्कुल नगरनार स्टील प्लांट से लगा हुआ है |  और उड़ीसा के साथ इन इलाकों में  लगातार सर्चिंग होती रहती हैं  | यह कहा जा रहा था कि नक्सलियों ने ठेकेदार से 50 लाख की मांग की  है | इसकी जांच हमने की है | जांच के दौरान पाया गया कि वह भी खबर पूरी तरह झूठी है |  शिकायत में जिन कर्मचारियों का जिक्र किया था उन कर्मचारियों से भी पूछताछ की गई  है |  कर्मचारियों  ने बताया है ऐसी कोई घटना नहीं हुई है  | नक्सली के नाम से  कोई धमकी नहीं मिली है |  और कोई पैसे की मांग नहीं की गई है |  कुछ फोटो सोशल मीडिया में चल रहे हैं जिन्हें नक्सली बताया गया है | उन लोगों की पहचान भी कर ली गई है | वह फोटो नगरनार में ठेकेदार के पास काम करने वाले की है  | वहां कर्मचारी अपना काम का पैसा लेने अपनी साइट पर गए हुए थे |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 October 2020

 tree planting

मेधावी छात्रों का स्मृति चिन्ह के साथ हुआ सम्म्मान   जगदलपुर विधायक एवं संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने  छात्राओं को सायकिल एवं पाठ्य पुस्तकें बांटी | इसके साथ ही मेधावी छात्रों को स्मृति चिन्ह देकर उनको सम्मानित किया गया |  कोरोनावायरस महामारी के समय में शासन के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए  साडगुड हाई स्कूल के 64 छात्राओं को  सरस्वती सायकल योजना के तहत  साइकिल वितरण किया गया |  एवं जरुरतमंद बच्चों को पाठ्य पुस्तक बांटी गईं  |  इस अवसर पर विधायक एवं शहर अध्यक्ष राजीव शर्मा ने विद्यालय परिसर में वृक्षारोपण कर प्रर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया |  इस दौरान  विधायक रेखचंद जैन ने  कक्षा 12वीं के दो  मेघावी छात्रो के  पी जी कालेज में एडमिशन के लिए  प्राचार्य से बात की | और  दोनों के एडमिशन के निर्देश दिए | रेखचंद ने सभी से मास्क लगाने और प्रशासन के नियमो के पालन करने की अपील की |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 September 2020

 BHUPESH BAGHEL

नक्सलियों के हमले में हुए 17 शहीद   सुकमा में नक्सलियों के हमले में शहीद हुए 17 जवानों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल  श्रद्धांजलि दी और नक्सलवादियों से सख्ती से निपटने के निर्देश अधिकारीयों को दिए  | बघेल ने लोगों से कोरोना को लेकर किये गए लॉकडाउन का पालन करने को भी कहा   |  छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, विधायक मोहन मरकाम, केंद्रीय गृह मंत्रालय के वरिष्ठ सुरक्षा सलाहकार विजय कुमार और पुलिस महानिदेशक डी. एम. अवस्थी ने   सुकमा पुलिस लाईन में सुकमा नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की  |  इसके अलावा कोरोनाा वायरस को लेकर लॉक डाउन को गंंभीरता से पालन करने के लिए कहा है |  धुर नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के चिंतागुफा थाना क्षेत्र के मिनपा-कसालपाड़ इलाके में शनिवार को हुई मुठभेड़ में लापता 17 जवानों के शव रविवार को बरामद किए गए  | रविवार को इनकी तलाश के लिए 500 जवानों की टीम को भेजा गया था  |  मौके से जवानों के शव बरामद हुए  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 March 2020

Naksali Encounter

बीती रात से चल रही थी नक्सलियों  से मुठभेड़   छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के जंगल में शनिवार से चल रही सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में 17 जवान शहीद हो गए  | बस्तर आईजी पी सुंदरराज ने इसकी पुष्टि की है |  मुठभेड़ में घायल 14 जवानों को इलाज के लिए रायपुर लाया गया है, इसमें 5 नक्सलियों के मारे जाने की भी खबर है |  बीती रात से सुकमा के जंगल में सुरक्षा बलों और नक्सलियों में जबरदस्त मुठभेड़ हुई |  इस घटना में पांच नक्सलियों के मारे जाने और 17 जवानों के शहीद होने की सूचना है  |   घायल जवानों को हेलिकॉप्टर द्वारा सुकमा से रायपुर लाकर रामकृष्ण केयर अस्पताल में भर्ती किया गया है   | इसमें तीन जवानों की हालत गंभीर बताई जा रही है | सुकमा के  मिनपा इलाके में नक्सलियों की नंबर वन बटालियन की मौजूदगी की सूचना पर चिंतागुफा व आसपास के कैम्पों से एसटीएफ व डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड की टीमों को जंगल भेजा गया था |  इस बटालियन का कमांडर कुख्यात नक्सल लीडर हिड़मा है  |  फोर्स की वापसी के दौरान नक्सलियों ने एम्बुश में जवानों को फंसा लिया  |  मौके पर शनिवार दोपहर ढाई बजे से शाम 5 बजे तक जमकर फायरिंग  हुई  | तगड़े एम्बुश में फंसने के बावजूद जवानों ने हौसला नहीं खोया बल्कि जमकर मुकाबला किया  | अचानक हुई गोलीबारी में फोर्स का ट्रेकिंग डिवाइस कहीं गुम गया और दल बिखर गया  | सुकमा एसपी व बस्तर आईजी घटना की निगरानी में लगे रहे, पुलिस पहले कुछ भी बताने को तैयार नहीं थी  | डीजीपी डीएम अवस्थी ने मुठभेड़ की पुष्टि की है लेकिन शहीदों या घायलों की संख्या बताने में असमर्थता जताई  | उन्होंने कहा जब तक पूरी टीम लौट नहीं आती कैसे बता सकते हैं कि क्या हुआ है  | मौके पर बड़ी संख्या में नक्सली भी मारे गए हैं |  टीम लौटे तो गणना होगी  | तभी साफ होगा कि कितने घायल हैं  | जिस जगह यह मुठभेड़ हुई है वह पहुंच विहीन इलाका माना जाता है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 March 2020

 Naxalite surrender

अब समाज की मुख्य धारा से जुड़ेंगे नक्सली   सुकमा में लाखों के इनामी नक्सली दम्पति सहित तीन नक्सलियों  ने आत्मसमर्पण कर दिया |  बताया जा रहा है की इन नक्सलियों पर कई आपराधिक मामले दर्ज है  |  छत्तीसगढ़ के सुकमा में लाखों  के इनामी नक्सली दम्पति सहित |  तीन नक्सलियों ने एसपी शलभ सिन्हा और सीआरपीएफ के अधिकारियों के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया |   बताया जा रहा ये नक्सली सक्रिय थे |  और इनपर कई  केस दर्ज है |  सरेंडर  करने वाले  नक्सली  ,करटामी बादल प्लाटून 26 का डिप्टी कमांडर था |  जिसपर 8 लाख और उसकी पत्नी कमली पर 5 लाख का  इनाम था | एक और नक्सली मड़कम बीजू  पर 2 लाख का इनाम घोषित था  | सरेंडर करने वाले नक्सली ने बताया की  वह बस्तर के आदिवासी क्षेत्र का रहने वाला है | आंध्र के नक्सलियों ने संगठन बनाकर उसे नक्सली वारदात करने को कहा  |  जिसके बाद वह उसमे शामिल हो गया  | अब उसने समर्पण कर दिया है |  सरेंडर करने वाले नक्सलियों को समाज की मुख्य धरा से जोड़ने का प्रयास सरकार द्वारा किया जाएगा  | इसके साथ ही आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों को योजना के तहत दी जाने वाली सभी सुविधाएँ भी दी जाएंगी  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 March 2020

 NAKSALI HATYA

पहले गला काटा फिर उसकी आंखें भी निकाल ली   सुकमा जिले में नक्सलियों ने बर्बरता की हद पार कर दी  |  अलग-अलग स्थानों पर दो ग्रामीणों की पुलिस मुखबिरी के शक में नृशंस हत्या कर दी गई और  एक ग्रामीण की पत्नी को निर्वस्त्र कर पीटा गया | नक्सलियों ने इस पर भी सुरक्षा बालों के लिए मुखबिरी करने का आरोप लगाया है  | तोंगपाल के ग्राम कोल्लमकोंटा में  20-25 नक्सलियों ने पूर्व नक्सली मुचाकी हड़मा की कुल्हाड़ी से हत्या कर दी  | गला काटने के बाद उन्होंने मुचाकी की आंखें भी निकाल दी    इसके बाद उसकी पत्नी मंगली को निर्वस्त्र कर डंडे से पीटा |  इसके बाद कुछ ग्रामीणों की भी नक्सलियों ने पिटाई की  | मुचाकी मुख्य धारा में शामिल हो चुका था |  उसका छोटा भाई हांदा नक्सल संगठन जनमिलिशिया का कमांडर था, जिसने पिछले दिनों आत्मसमर्पण किया है  | मुचाकी की बहन पुलिस में भर्ती होने की तैयारी कर रही है  | यही वजह है कि मुचाकी निशाने पर था  | नक्सलियों को शक था कि हांदा ने मुचाकी के समझाने पर ही आत्मसमर्पण किया है |  मंगली ने बताया कि नक्सली लुंगी में थे  | दूसरी वारदात चिंतलनार थाना क्षेत्र के मुकरम गांव की है इस गांव के पुजारी पारा स्थित टोले में पहुंचे नक्सलियों ने सो रहे माड़वी उर्रा को घर से उठाया |  फिर गांव की भीड़ वाली जगह पर ले जाकर धारदार हथियार से उसकी हत्या कर दी  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 March 2020

 IED bomb recovered

नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम की गई   जवानों ने नक्सलियों की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है  | नक्सलियों ने जवानों को उड़ाने के लिए प्रेशर आईईडी बम लगाया था  | जिसे बरामद कर लिया गया  |  सुकमा में  मिनपा के जंगलों से नक्सलियों द्वारा लगाया प्रेशर आईईडी बम जवानों ने बरामद किया है  | सर्चिंग पर निकलने वाले जवानों को निशाना बनाने के लिए नक्सलियों ने प्रेशर आईईडी लगाया था, जिसे  शाम को  सर्चिंग पर निकले जवानों ने बरामद कर लिया  | सीआरपीएफ की 150वी बटालियन के जवानों ने आईईडी को सुरक्षित नष्ट कर दिया  |  करीब 5 किलों आईईडी बम लगाया गया था, जिससे बड़ा हादसा हो सकता था |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 February 2020

 NAKSALI DEATH

बस्तर में नक्सली पूरी तरह बैक फूट पर   छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में एक नक्सली मारा गया  है   |  घटना स्थल से वर्दीधारी नक्सली का शव और हथियार बरामद किए गए हैं  |  मुठभेड़  सुकमा  के मुल्लेर के माड़ोपारा में हुई है  .|  फूलबगड़ी थाना  के   माड़ोपारा के जंगल में नक्सलियों के जमावड़े की सूचना  फ़ोर्स को मिली थी  |  इसी सूचना के आधार पर सर्चिंग पार्टी ने जंगल को घेरना शुरू किया  .|  पुलिस जवानों को अपनी ओर आता देख नक्सलियों ने जंगल के अंदर से गोलियां बरसाना शुरू कर दिया  | जवाबी कार्रवाई में जवानों ने फायरिंग कर एक नक्सली को ढेर कर दिया  |  मारा गया नक्सली प्लाटून का सदस्य था  | उसके पास से पिस्टल और एक   मोटोरोला वायरलेस सेट बरामद किया है  |  मुठभेड़ के बाद जंगल में जवानों का सर्चिंग अभियान चल रहा है  |  इस मुठभेड़ में पुलिस पार्टी को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचा है  |  बताया जा रहा है कि नक्सली अभी भी माड़ोपारा के घने जंगलों में छिपे हुए हैं  | .फोर्स आगे बढ़ने की कोशिश कर रही है, ताकि नक्सलियों को वहां से खदेड़ा जा सका  | बस्तर में तेजी के साथ चलाए जा रहे नक्सल विरोधी अभियान की वजह से यहां नक्सली पूरी तरह बैक फूट पर आ चुके हैं  |  नक्सल संगठन की कमर टूट रही है और कई नक्सली कमांडरों ने आत्मसमर्पण कर दिया हैइस घटना के बाद सुकमा एस.पी. के समक्ष दो महिला नक्सलियों ने  भी आत्मसमर्पण किया हैं  |           

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 November 2019

 NAKSALI

एक नक्सली कमांडर पर 10 लाख का इनाम   छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में कोंटा पुलिस के पुलिस के समक्ष एक 10 लाख के इनामी नक्सली कमांडर ने अपने नौ अन्य साथियों के साथ आत्मसमर्पण किया है  | आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों में गड्डो कृष्णा उर्फ बदरू पर दस लाख का इनाम घोषित था  |  कोंटा में दस नक्सलियों ने समर्पण किया है  |  आत्मसमर्पण करने वाला नक्सली कमांडर 12 जुलाई साल 2009 में राजनांदगांव जिले के मदनवाड़ा में एंबुश लगाकर पुलिस पार्टी पर हमला करने की घटना में शामिल था  | इस बड़े हमले में जिले के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार चौबे सहित 29 पुलिस जवान शहीद हो गए थे  | कोंटा थाना प्रभारी शरद सिंह ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि रेंज के आईजी विवेकानंद सिन्हा, जिले के पुलिस अधीक्षक  शलभ सिन्हा के मार्गदर्शन में क्षेत्र में चलाए जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान से प्रभावित होकर कुछ नक्सलियों  ने समाज की मुख्यधारा में शामिल होने की इच्छा जाहिर की थी  | उनसे बातचीत करने पर वे आत्मसमर्पण के लिए तैयार हो गए। उन्होंने कोंटा थाना पहुंच कर अपने हथियार सहित आत्मसमर्पण किया   आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों में गड्डो कृष्णा उर्फ बदरू भेजी क्षेत्र का रहने वाला है और नक्सलियों की उत्तर गढ़चिरौली डिविजन की कंपनी नंबर 4 में कमांडर के रूप में काम कर रहा था  |   उस पर सरकार की ओर से 10 लाख रुपये का इनाम घोषित था  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 November 2019

 KAWASI LAKHMA

लखमा बोले मेरा और रमन का नार्को टेस्ट हो   झीरमघाटी मामले की जांच के साह राजनीति भी गर्माने लगी है   | जगदलपुर में छत्तीसगढ़ शासन के मंत्री कवासी लखमा ने कहा है कि मेरा और पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह का नार्को टेस्ट कराया जाए  |  जिससे इस घटना के राजनीतिक साजिश का खुलासा हो सके |  गौरतलब है कि मामले की न्यायिक जांच के दौरान गवाह और झीरम हमले में घायल हुए शिवनारायण द्विवेदी ने  कांग्रेस नेता कवासी लखमा पर गंभीर आरोप लगाया था कि कहीं न कहीं लखमा की भूमिका इस घटना में संदिग्ध है |  झीरम घाटी काण्ड को लेकर अब सियासत उफान पर है  |  इस मामले में चश्मदीदों ने छत्तीसगढ़ सरकार के मंत्री कवासी लखमा को शक के दायरे में ला दिया है  | . इस मामले में कवासी लखमा ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह का नार्को टेस्ट करवाए जाने की बात कही है  | उन्होंने कहा कि  मेरा और पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह का नार्को टेस्ट कराया जाए  | . लखमा के इस बायान के बाद माना जा रहा है कि छत्तीसगढ़ की राजनीति में अभी और भूचाल आ सकते हैं |  मामले की न्यायिक जांच के दौरान गवाह और झीरम हमले में घायल हुए शिवनारायण द्विवेदी ने लखमा की भूमिका पर सवाल उठाये और कहा    कि हमले के दौरान  उन्होंने नक्सलियों को कहा कि मैं कवासी लखमा हूं, तब नक्सलियों ने उन्हें छोड़ दिया और कांग्रेस के तत्कालीन प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार पटेल सहित अन्य नेताओं को लेकर नक्सली जंगल में ले गए और बाद गोलियां चलने की आवाज आई  |  द्विवेदी तब कांग्रेस नेता थे,बाद में वे भाजपा में शामिल हो गए  |  झीरम मामले की हो रही उच्च स्तरीय जांच के दौरान आंखों देखी बयान में शिवनारायण के बयान के बाद इस मामले में बवाल मचा और दो दिन से राजनीतिक गलियारे में ये घटनाक्रम चर्चा का विषय बना हुआ है |  सुकमा जिले में नक्सलियों ने 25 मई 2013 को कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा पर हमला कर राज्य के पूर्व मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता महेंद्र कर्मा समेत 29  लोगों की हत्या कर दी थी  |  कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा में हमले से पहले पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी हेलीकॉप्टर से राजधानी लौट गए थे  |   नक्सलियों ने परिवर्तन यात्रा से लौट रहे कांग्रेस के काफिले पर लगातार दो घंटे तक फायरिंग की थी  | आयुर्वेद चिकित्सा महासंघ के अध्यक्ष व झीरम नरसंहार मामले के गवाह शिवनारायण द्विवेदी ने डीजीपी डीएम अवस्थी से मुलाकात करके सुरक्षा की मांग की   |  शिवनारायण को झीरम कांड में नक्सलियों की गोली लगी थी  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 October 2019

 NAKSALI

पुनर्वास नीति से प्रभावित है नक्सली माड़वी   कई बड़ी वारदातों में शामिल पांच लाख की इनामी महिला नक्सली माड़वी गंगी ने सरकार की पुनर्वासनीति से प्रभावित हो कर पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया  |  इसके साथ तीन अन्य नक्सलियों ने भी हथियार डाल दिए हैं |  पांच लाख की इनामी महिला नक्सली माड़वी गंगी समेत 4 नक्सलियों ने सुकमा में  सरेंडर किया  | आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों में दो महिलाएं और दो पुरुष शामिल हैं | इनमे से प्रमुख  माड़वी गंगी  |  2006 से नक्सली कमांडर सतिषन्ना के द्वारा संगठन से जोड़ी गई थी  | ये सभी नक्सली बीते कई सालों से नक्सल संगठन में काम कर रहे हैं | ये सभी नक्सल उन्मूलन अभियान और शासन की पुनर्वास नीति से प्रभावित  हैं  | आत्मसमर्पण के बाद इन सभी ने साथी  ही नक्सलियों पर भेदभाव और हिंसा का आरोप लगाया  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 October 2019

 CRPF JAWAN

सोशल मीडिया पर आया CRPF का पीड़ित जवान   सुकमा जिले के 74वीं बटालियन में पदस्थ CRPF जवान का वीडियो सामने आया है    | जवान ने उत्तर प्रदेश प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है  और साथ ही मदद नहीं मिलने पर 'पान सिंह तोमर' की तरह बागी बनने की चेतावनी भी दी है | इस वायरल वीडियो में सीआरपीएफ जवान ने परिजनों पर अपनी जमीन हड़पने का आरोप लगाया है, वहीं पुलिस प्रशासन से शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है  |  सीआरपीएफ के जवान प्रमोद कुमार छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से लोहा ले रहे हैं |  उधर उनके चाचाओं और उनके गुर्गों ने प्रमोद कुमार की जमीन पर कब्ज़ा कर लिया है   | प्रमोद कुमार ने वीडियो के जरिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से गुहार लगाते हुए कहा है कि आप मामले में संज्ञान लीजिए और उचित कार्रवाई कीजिए  | सुकमा जिले में पदस्थ सीआरपीएफ जवान प्रमोद कुमार उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले का रहने वाला है   | प्रमोद कुमार ने  अपने चाचा पर आरोप लगाया है कि उन्होंने प्रमोद की जमीन हड़प ली है  |   साथ ही अपने परिजनों से मारपीट करने का भी आरोप लगाया है  |  वायरल वीडियो में प्रमोद कुमार ने कहा है कि मामले को लेकर उन्होंने अपने उच्च अधिकारी को जानकारी दी थी, जिसके बाद उन्होंने लिखित शिकायत कर जिला कलेक्टर और एसपी को पत्र भेजकर कार्रवाई की मांग की थी, लेकिन तीन महीने बीत जाने के बाद न कोई कार्रवाई की गई और न ही पत्र का कोई जवाब आया  |  अब आलम ऐसा है कि नक्सल क्षेत्र में तैनात जवान को वीडियो वायरल कर सरकार से मदद मांगनी पड़ रही है  |   प्रमोद कुमार ने कहा है कि अगर देश की रक्षा के लिए वे अपनी जान दे सकते हैं तो अपने परिवार वालों के लिए पान सिंह तोमर भी बन सकते हैं |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 October 2019

 DENGUE PATIENT

डॉक्टर्स की टीम इलाके में भेजी गईं   छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा में डेंगू के 25 मरीज मिलने से  हडकंप मच गया है | कोंटा अस्पताल में अभी 11 मरीज भर्ती है जबकि बाकी का अलग अलग जगह इलाज चल रहा है |  सुकमा के कोंटा ब्लाक स्थित अस्पताल में डेंगू के मरीजो का इलाज चल रहा है |  यहां पर करीब 11 मरीजों को लाया गया है | जिसमें एक आश्रम के बच्चे  और पुलिस के जवान शामिल है | वही 5 दिन से लगातार आ रहे बुखार के 48 मरीजों की जांच की गई जिसमें 25 मरीजों में डेंगू  पाजीटिव मिला है |  जिसके बाद इलाके में हंडकप मच गया  | रायपुर और जगदलपुर से मेडिकल कालेज से टीम सुकमा पहुंच गई है |  अब यह टीमें सुकमा के डाक्टरों के साथ कोंटा में भी कैम्प करेंगी |  इसके अलावा एतिहातन कोंटा के उड़ीया पारा व थानापारा में दवा का छिड़काव किया जा रहा है |  मच्छरदानी में सोने की सलाह दी जा रही है |   इसके अलावा घर-घर जाकर सर्वे किया जा रहा  है |    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 October 2019

 NAKSALI

दो पर था आठ आठ लाख का इनाम    सुकमा में आठ-आठ लाख रुपये की इनामी दो खूंखार महिला नक्सली समेत आठ नक्सलियों ने    डीआइजी सीआरपीएफ और एसपी के सामने आत्मसमर्पण कर दिया  | इनमें दो एक-एक लाख रुपये के इनामी हैं  | महिला नक्सली कई बड़ी वारदातों में शामिल रहीं हैं  |  आत्मसमर्पण करने वालों में शामिल वेट्टी पाली   और कोमराम सम्मी पुत्र रामकृष्णा   नक्सलियों की खूंखार बटालियन नंबर एक की सदस्य हैं  |  इनके अलावा पोडियम टिंकू   मिलिशिया कमांडर इन चीफ और रवा भीमा   एलजीएस सदस्य पर एक-एक लाख का इनाम था  | आत्मसमर्पण करने वाले अन्य नक्सलियों में पोडियम केशा  |  सोयम मुत्ता   नक्सली स्कूल शिक्षक, उइका बुधरा  मिलिशिया सदस्य और मुचाकी रामा   जनताना सरकार अध्यक्ष बैयमपल्ली आरपीसी शामिल हैं  |  दूसरी और बीजापुर जिले के केतुलनार सरपंच के अपहरण और हत्या की वारदात में शामिल रहे  दंडकारण्य किसान मजदूर संगठन अध्यक्ष पंडरू तेलम  और उसूर थाना क्षेत्र से महिला नक्सली सोढ़ी पोज्जे को गिरफ्तार किया गया है  | पंडरू पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 September 2019

 NAKSALI

जवानो ने किया नष्ट, बड़ी घटना की थी आशंका   सुकमा में एक बार फिर नक्सलियों की चाल को जवानो ने नाकामयाब किया है   |नक्सलियों के प्लांट किये गए कुकर आई ई डी  बम को बरामद कर नष्ट कर दिया गया  |बताया जा रहा है की  नक्सली किसी बड़े हादसे को अंजाम देने की फ़िराक में थे  |  सुकमा के.देवरपल्ली गांव के मुख्य मार्ग पर नक्सलियों ने  दस किलो वजनी प्रेशर  कुकर आई.ई.डी. बम  प्लान्ट किया गया था   |जिसे जवानो ने   बरामद कर  नष्ट कर दिया   |एक बार फिर नक्सलियों की चाल  को जवानो ने नाकामयाब  किया है   | जवानो के द्वारा सर्चिंग अभियान चलाया जा रहा है  | जिसके तहत इस बम की बरामदी की गई है   | बताया जा रहा है की बम को जमीन में ज्यादा नीचे तक नहीं रखा गया था  |बम बिस्फोट कर नक्सली किसी बड़ी वारदात को अंजाम देना चाहते थे |  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 August 2019

 BHUPESH BAGHEL

अफसरों  की गंभीर लापरवाही आयी सामने  गुस्साए ग्रामीणों ने किया चक्का जाम   बड़े नेता के कार्यक्रम में भीड़ और वाहन बढ़ा कर  सरकारी अमला अपने नंबर बढ़ाने का काम करता है  | लेकिन हद तो तब हो गई जब ढो कर लाये गए ग्रामीण, वाहन समेत आयोजन स्थल पर मौजूद दलदल में फंस  गए   |  और जिम्मेदार अफसर ग्रामीणों को उसी हालत में छोड़ कर खिसक लिए  | गुस्साए ग्रामीणों ने जब चक्का जाम किया तब जाकर प्रशासन हरकत में आया  | ये कार्यक्रम किसी और का नहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का था  |  कई बार अफसरों के पास उलटे भी पड़ जाते हैं  |  ऐसा ही एक वाक्या तोकापाल में सामने आया | अफसर मुख्यमंत्री के सामने अपने नंबर बढ़ाने कुछ भी कर रहे हैं | लेकिन अफसरों की तब फजीहत हो गई   | जब तोकापाल मे एक सरकारी आयोजन के लिये बसों ट्रकों मे लाए गये ग्रामीणों ने राष्ट्रीय राजमार्ग को  जाम कर दिया |  दरअसल ग्रामीणों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आयोजन में ट्रक और बसों में भरकर लाया गया था   | जिस जगह यह आयोजन था   वहां वाहन खड़ा करने की जगह नहीं थी   | और आये हुए वाहनों को दलदल में ही खड़ा  कर दिया गया   | कार्यक्रम ख़त्म  होने के बाद सभी अफसर और नेता   ग्रांमीणो को उसी हालत में छोड़ चले गए  | घंटों से दलदल में फंसे  ग्रामीणों को जब देखने कोई नहीं आया तो   | भूखे ,प्यासे गुस्साए ग्रामीणों ने मुख्य सड़क पर चक्का  जाम कर दिया  | और प्रदर्शन करने लगे  | आला अफसरों को जब  इसकी खबर लगी तो वो हरकत में आये  |  हडबडाये अफसरों ने जाकर स्थिती को नियन्त्रण मे किया |  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 August 2019

 NAKSALI ENCOUNTER

मुठभेड़ में जब आमने-सामने भाई -बहन  ये कहानी फ़िल्मी नहीं है सच है    ये कहानी फ़िल्मी नहीं है |  दोनों तरफ से फायरिंग हो रही थी  | एक तरफ पुलिस थी तो दूसरी ओर नक्सली   | इस गोलीबारी के बीच एक पुलिस वाले को अपनी नक्सली बहन सामने दिखाई दी  | भाई -बहन से कुछ कह पाता कि कवर फायर का लाभ लेकर बहन नक्सलियों के साथ जंगल में ओझल हो गई  यह वाक्या सुकमा के बालकातोंग का है  |   नक्सल प्रभावित सुकमा में एक मुठभेड़ की खूब चर्चा है   | यह मुठभेड़ किसी फ़िल्मी कहानी से कम भी नहीं है  |  मुठभेड़ में एक पुलिसकर्मी भाई और उसकी सगी नक्सली बहन में भी मुठभेड़ हुई   | हालांकि पुलिस की जवाबी कार्रवाई के बाद नक्सली जंगल में भाग गए  | ये कहानी है नक्सली कमांडर वेट्टी रामा की   | जो पहले नक्सली संगठन से जुड़े थे, लेकिन अब पुलिस के साथ मिलकर नक्सलियों की कब्र खोदने में लगे हैं   |  वहीं वेट्टी रामा की बड़ी बहन वेट्टी कन्नी अभी भी नक्सली संगठन के साथ ही जुड़ी हुई है  |  ऐसे में बीते दिनों 29 जुलाई को बालकातोंग में एक मुठभेड़ के दौरान दोनों भाई-बहन का आमने-सामने का मुकाबला हो गया  |  दोनों तरफ से जमकर फायरिंग भी हुई, लेकिन नक्सली बाद में फरार हो गए  | वेट्टी रामा ने मुख्यधारा से जुड़ने के बाद कई बार बहन को भी समझाने की बहुत कोशिश की और बार-बार पत्र लिखकर मनाने की कोशिश की, लेकिन उसकी बहन ने साफ कह दिया कि वह नक्सली संगठन के लिए ही काम करेगी और बार-बार मुझे इस तरह के पत्र न लिखें  |  बीते  29 जुलाई को सुरक्षाबल के साथ वेट्टी रामा एक ऑपरेशन के लिए बालकातोंग नक्सल इलाके में गया तो अचानक उसकी बहन वेट्टी कन्नी दिखाई दी  |  करीब 200 मीटर दूर से रामा ने उसे पहचान लिया  | कुछ बोल पाते कि उस बीच दोनों ओर से फायरिंग होनी शुरू हो गई और देखते ही देखते बहन आंखों के सामने गायब हो गई  | ऑपरेशन के बाद वेट्टी रामा लगातार पता लगा रहे है कि बहन किस स्थिति में है  | वेट्टी रामा पहले नक्सली संगठन से जुड़ा था, लेकिन 13 अक्टूबर 2018 को हथियार के साथ पुलिस के समझ आत्मसमर्पण कर दिया  | राम ने करीब 23 साल तक नक्सली संगठन के साथ काम किया   |  उस पर पुलिस ने आठ लाख रुपए का इनाम भी घोषित किया था  |  वहीं उसकी बड़ी बहन भी कई सालों से नक्सली संगठन के लिए काम कर रही है  |  दोनों भाई-बहन गगनपल्ली के रहने वाले है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 August 2019

 NAKSALI

सात में से चार नक्सलियों  पर है  इनाम    मुख्यधारा से जुड़ने के लिए सुकमा में सात नक्सलवादियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया  | इनमे से चार नक्सलियों पर इनाम भी घोषित है | ये सभी 2008 से नक्सली गतिविधियों में शामिल रहे हैं  |  सुकमा के पुलिस अधीक्षक शलभ सिन्हा के सामने सात हार्डकोर नक्सलियों ने आत्मसमर्पण कर दिया  | आत्मसमर्पित नक्सलियों में चार पर इनाम घोषित है     एसपी शलभ सिन्हा ने बताया कि समर्पित नक्सलियों में प्लाटून 24 का सदस्य सोढ़ी जोगा शामिल है  |  उसपर दो लाख का इनाम घोषित है  | सोढ़ी जोगा 2008 में नक्सली संगठन में शामिल हुआ था और 2014 में चोलनार के पास आईईडी ब्लास्ट में शामिल था  | एक लाख का इनामी मुचाकी बुधरा ने नक्सली विनोद के गार्ड के रूप में काम किया है  |  एर्रे सोड़ी  पर भी एक लाख का इनाम घोषित है  |  वह महिलाओं को संगठन में जोड़ने का काम करती थी  |  पोड़ियम नंदा मिलिशिया प्लाटून सेक्शन ए का कमांडर है  | एसपी शलभ सिन्हा ने बताया कि आत्मसमर्पित नक्सली पोडिय़म नंदा की निशानदेही पर कोंटा एरिया में पुलिस ने छापा मारा था  |   मौके से 30 किलो वजनी 19 नग जिलेटिन बरामद किया गया  | बताया गया है कि विस्फोटक सामग्री क्रेशर प्लांट से थोड़ी थोड़ी मात्रा में एकत्रित कर नक्सलियों को सप्लाई की जाती है  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 August 2019

  Kawasi Lakhma

बस्तर के कई इलाके हुए पानी पानी    बस्तर के बाढ़ प्रभावित इलाकों का मंत्री कवासी लखमा और सांसद दीपक बैज ने हवाई दौरा किया  |  और बाढ़ पीड़ित लोगों की मदद के लिए अधिकारीयों को निर्देश दिए  ... बस्तर के कई इलाकों में पानी भरा हुआ है जिसके कारण जान जीवन अस्त व्यस्त हो गया है  |  बस्तर संभाग में लगातार बारिश के चलते सुकमा जिले में बाढ़ की स्थिति निर्मित हो गई है  | जंगल समेत रहवासी इलाके में पानी भर गया है  |  राज्य सरकार प्रभावितों की मदद में लगी है  |  उद्योग मंत्री लखमा और बस्तर के सांसद बैज ने इलाके का हवाई दौरा किया  | मंत्री, सांसद और विधायक ने हवाई सर्वे के दौरान प्रभावित इलाकों के वीडियो और फोटो भी लिया, ताकि मुख्यमंत्री को रिपोर्ट के साथ वीडियो और फोटो के माध्यम से प्रभावित इलाकों के दृश्य दिखाए जा सके |   इन लोगों ने अधिकारीयों को बाढ़ प्रभावितों को तत्काल उचित मदद देने के निर्देश दिए    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 August 2019

 Weather

शबरी नदी उफान पर,कोंटा पानी पानी     छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में तेज वारिश का दौर जारी है  सुकमा में शबरी नदी उफान पर है  और कोंटा इलाके में पानी भर गया है   और सड़कों पर नाव चल रही है    नक्सल प्रभावित सुकमा इस समय नई मुसीबत से दो दो हाथ कर रहा है  इस इलाके में हो रही  बारिश ने जान जीवन अस्त व्यस्त कर दिया है  सुकमा जिला मुख्यालय के साथ ही सुकमा जिले की कोन्टा तहसील जल मग्न हो चुकी है  यहां शबरी नदी पूरे उफान पर है  आलम यह है कि शहर मे ही बोट के सहारे शासकीय कर्मचारी और आम आदमी आना जाना कर रहे है  ये मोटरबोट राष्ट्रीय राजमार्ग पर चल रही हैं  बस और कारें बीच सडक पर ही बन्द होकर खडी हो गई हैं   इलाके का सम्पर्क चारों दिशाओं से कट चुका है.  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 August 2019

 BARISH

लगातार बारिश से जन-जीवन अस्त व्यस्त    लगातार हो रही बारिश से सुकमा में नदी नाले उफान पर  है   तुंगल डैम  से  पानी ओवर फ्लो  होने की वजह से बड़ा इलाका जलमग्न हो गया है    जिसके चलते क्षेत्र में  जन जीवन अस्त व्यस्त है   सुकमा मे पिछले चार दिनों  से लगातार हो रही बारिश के कारण   यहां के  सभी नदी नाले ऊफान पर हैं   तुंगल डैम  से पानी ओवर फ्लो होने की वजह से  शहर  जल मग्न हो गया  लोगों के घरों में पानी घुस गया है   पानी के कारण जन  जीवन अस्त व्यस्त हो गया गया है    हालाँकि पानी रुकने की वजह से पानी का स्तर गिरा है   और रहवासियों को थोड़ी सी राहत मिली है   सडकों पर  पानी भरने की वजह से आवाजाही प्रभावित हुयी है  जलमग्न हुई सडकों के पानी को प्रशासन की मदद से निकाला जा रहा   वहीँ मौसम विभाग का कहना है अभी बारिश का दौर जारी रहेगा   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 August 2019

 NAKSALI

तात्ति भीमे ने की कई वारदातें    कई बडी नक्सली वारदातों को अंजाम दे चुकी महिला नक्सली तात्ति भीमे को सीआरपीएफ ने पकड़ने में सफलता हासिल की है  इसके  द्वारा की गई  वारदातों में कई जवान शहीद हुए हैं सुकमा जिले के अतिसंवेदनशील क्षेत्रो में तैनात सीआरपीएफ  को एक बड़ी सफलता मिली   सीआरपीएफ और बस्तरिया बटालियन की महिला प्लाटून ने   पीएलजीए की टीम की सदस्य तात्ति भीमे को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की   ये महिला नक्सली 2012 से नक्सली संगठन में जुड़ कर कई बड़ी नक्सली घटनाओं को अंजाम  दे चुकी है   इसके द्वारा की कई वारदात में  पिडमेल में  7 एसटीएफ के जवान शहीद हुए थे   गचनपल्ली में इसके हमले में एक कोबरा जवान शहीद हुए थे  ताती भीमे नक्सली कमाण्डर पङाअप्पू की टीम में सक्रिय थी   इसे  बीमार होने पर  खुद नक्सली कमांडर  ताति भीमे घर छोड़ा था   ताकि वे इलाज करवा सके   सीआरपीएफ  74 वीं वाहिनी के कमाण्डेन्ट प्रवीण कुमार को इसकी भनक लगी तो उन्होंने ने प्लान बनाकर इसे गिरफ्तार करवाया  सीआरपीएफ  ने मानवता दिखाते हुए पहले महिला नक्सली का उपचार किया   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 August 2019

 NAKSALI

 दूसरी तरफ नक्सलवादियों से मुठभेड जारी है पिछले दो दिनों में हुए एन्काउंडर में चार नक्सली मारे गए हैं       सोमवार को शहीदी सप्ताह के दूसरे दिन पुलिस ने दो नक्सलियों में मारने में सफलता हासिल की   नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के कोंटा इलाके में जंगल में पुलिस के साथ कुछ नक्सलियों की मुठभेड़ हो गई  सर्चिंग अभियान पर निकले पुलिस जवानों पर जब नक्सलियों ने गोलीबारी की तो पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में दो नक्सलियों को ढेर कर दिया    पुलिस को घटनास्थल से भारी मात्रा में नक्सल सामग्री और हथियार भी बरामद हुए हैं    पुलिस अधीक्षक शलभ सिन्हा ने मुठभेड़ की पुष्टि की है   मुठभेड़ में दो नक्सलियों को मारने से पहले रविवार को करीबी 14 नक्सलियों ने पुलिस के सामने समर्पण कर दिया है। जिसे नक्सलियों ने लिए बड़ा झटका माना जा रहा है  इसके बाद आज पुलिस ने दो नक्सलियों को मारकर दूसरा बड़ा झटका दे दिया है  इससे पहले  तिरिया माचकोट के जंगलों में ओड़िसा सीमा में हुई मुठभेड़ भी नक्सली  मारे गए   यहाँ से बड़ी मात्रा में हथियार और नक्सली साहित्य और नक्सलियों ऑपरेशन प्लान मिला है   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 July 2019

 NAKSALI

एक लाख का इनाम  था घोषित    एक लाख के इनामी दम्पति ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया हैं  नक्सलियों की खोखली विचारधारा से तंग आकर   और पुलिस द्वारा नक्सलियों को मुख्यधारा में वापस लाने की योजना से प्रभावित होकर उन्होंने यह कदम उठाया हैं    नक्सलियों की खोखली विचारधारा से तंग आकर   सुकमा पुलिस के समक्ष नक्सली दंपत्ती ने सरेंडर किया है  आत्मसमर्पित नक्सलियों में   D K M S अध्यक्ष मड़कम सुक्का और मड़कम सोनी शामिल है   D K M S अध्यक्ष मड़कम सुक्का पर शासन ने एक लाख का इनाम रखा था   बताया जा रहा है कि आत्मसमर्पित मड़कम सुक्का  सलवाजुड़ुम से पहले नक्सल संगठन में बाल संघम के पद पर सक्रिय रह   इसी प्रकार मड़कम सोनी भी सलवा जुड़ुम से पहले  K N S  सदस्य के पद पर भर्ती हुई थी      

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 July 2019

naxli

  सुकमा में पुलिस और नक्सलियों के बीच में मुठभेड़मेंएक नक्सली मारा गया औरकई गोली लगने से घायलहोहुए हैं | छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में मंगलवार सुबह डब्बाकोंटा इलाके में पुलिस और नक्सलियों के बीच में जमकर मुठभेड़ हो गई। पुलिस को मुखबिर से जानकारी मिली थी कि डब्बाकोंटा इलाके में बड़े नक्सली नेताओं का जमावड़ा लगा हुआ है। जब पुलिस ने यहां सर्चिंग अभियान शुरू किया तो नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। स्थानीय सूत्रों के मुताबिक नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में एक वर्दीधारी नक्सली मारा गया है, जिसका शव पुलिस ने बरामद कर लिया है। उसके शव के पास से पुलिस को एक इंसास रायफल व अन्य हथियार भी बरामद हुए हैं। इसके अलावा कई अन्य बड़े नक्सलियों के भी फायरिंग में घायल होने की सूचना है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 July 2019

crpf

एक लड़की की गोली लगने से मौत  छत्तीसगढ़ के बीजापुर में  पुलिस और नक्सलियों की मुठभेड़ में तीन जवान शहीद हो गए वहीँ नक्सलियों की गोली से एक लड़की की मौत हो गई और एक लड़की घायल हो गई वहीँ राजनांदगाव में भी पुलिस और नक्सलियों की मुठभेड़ हुई जहाँ से नक्सली अपना सामन छोड़कर भाग गए बीजापुर में गश्ती दल के जवानों और नक्सलवादियों के बीच जमकर मुठभेड़ हुई इस  मुठभेड़ में 3 जवान शहीद हो गए  शहीद जवानों के नाम  ओपी . साझी  महादेव पाटिल  और एच सी साजी बताये गए हैं   ये तीनों ही CRPF  के जवान थे  गश्त के दौरान माओवादियों ने एम्बुश लगाकर इन पर हमला किया  क्रॉस फायरिंग की चपेट में आकर एक नाबालिग युवती की मौत हो गई और एक आदिवासी नाबालिग  घायल हो गई  घायल बच्ची का नाम रिंकी हेमला और मृत बच्ची का नाम ज़िब्बी तेलम  हैं   भैरमगढ़ थानाक्षेत्र के केशकुतूल गांव के नज़दीक यह मुठभेड़ हुई | दूसरी और राजनांदगांव जिले के औंधी थाना क्षेत्र के जंगलों में पुलिस और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में भारी मात्रा में हथियार व गोला बारूद बरामद हुए है घटनास्थल से एक  303 रायफल, दो   12 बोर, एक  भरमार  बंदूक  एक शुक्रवार की सुबह मुठभेड़ में कई नक्सलियों के घायल होने और मारे जाने की सम्भावना भी जताई जा रही है जिला पुलिस बल, डीआरजी, एसटीएफ और आईटीबीपी की संयुक्त टीम ने इस कार्यवाही को अंजाम दिया है |    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 July 2019

naxli mahila

  महिला नक्सली लौट रही हैं मुख्यधारा में  छत्तीसगढ़ में पिछले एक अरसे में बड़ी संख्या में महिला नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है | ये महिलाये बड़े नक्सलियों के शोषण का शिकार होती रही हैं | लेकिन अब पुलिस के प्रयासों से ये महिलाएं सामान्य जीवन व्यतीत कर रही हैं | छत्तीसगढ़ का दंतेवाड़ा घोर नक्सल क्षेत्र है  |  इस इलाके में नक्सलियों ने कई बड़ी वारदातों को अंजाम दिया है | अब पुलिस का इस इलाके में दबाव बढ़ता जा रहा है | इसे देखते हुए कई नक्सलियों  ने  समर्पण किया है इन क्षेत्रों में महिला नक्सलियों की संख्या ज्यादा है | और बड़े नक्सली नेता महिलाओं का शोषण भी करके आए हैं | नक्सलियों ने महिलाओं की नसबंदी करा दी है ताकि वह बच्चे पैदा ना कर सकें नक्सलियों की  खोखली विचारधारा से त्रस्त होकर दंतेवाड़ा में 100 से ज्यादा महिला नक्सलियों ने समर्पण किया है नसबंदी की जानकारी पुलिस को लगी तो सभी महिला नक्सलियों की नसबंदी ऑपरेशन के द्वारा खुलवा दी गई और महिलाओं की शादी भी करा दी गई अब यह महिलाएं अपने परिवार और बच्चों के साथ यहां अपना बेहतर जीवन जी रही है और पुलिस की नौकरी भी कर रही है और नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब भी दे रही हैं | इस इलाके में पुलिस का एक अन्य चेहरा भी है  | नक्सली महिलाओं को  समर्पण करने के बाद पुलिस और सिविल में नौकरियां दिलवाई जाती हैं | इनकी शादियां करवाई जाती हैं | बाकी नक्सली इन को जब मुख्यधारा में देखते हैं तो वे भी लगातार आत्मसमर्पण कर रहे हैं  | इन नक्सलियों के  परिवार भी बन गया है  | इनकी शादी होने के बाद  बच्चे भी हैं और स्कूल पढ़ने भी जा रहे हैं   समर्पण करने के बाद इनके जीवन में बड़ा बदलाव आया है|

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 June 2019

bastar naxli

  छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में मंगलवार को पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में तीन नक्सली ढेर हो गए। मिली जानकारी के मुताबिक सुकमा जिले के मर्कागुड़ा और मुलेर के जंगल में डीआरजी और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ की सूचना मिली है। स्थानीय सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस मुठभेड़ में तीन नक्सलियों के मारे जाने की सूचना है। हालांकि उनके शव बरामद नहीं हुए हैं। इसके अलावा कई नक्सलियों के घायल होने की भी सूचना है। पुलिस ने एक नक्सली को जिंदा गिरफ्तार कर लिया है। फूल बगड़ी थाना क्षेत्र में हुई इस वारदात में पुलिस को घटना स्थल से एक 315 बोर पिस्टल, 4 भरमार, एक पाइप बम और दैनिक उपयोगी सामग्री बरामद हुई है। 5 लाख की इनामी महिला नक्सली ने किया समर्पण पुलिस और सुरक्षा बलों द्वारा बस्तर में चलाए जा रहे प्रभावी अभियान और शासन की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर बस्तर क्षेत्र में लगातार नक्सली आत्मसमर्पण कर रहे हैं। इसी कड़ी में बुधवार को बस्तर रेंज के आईजी विवेकानंद सिन्हा के समक्ष 3 नक्सलियों ने आत्म समर्पण किया। आत्मसर्पण करने वाले नक्सलियों में एक 10 लाख का इनामी कमाण्डर सहित एक 5 लाख की इनामी महिला नक्सली शामिल है। आत्मसर्पण करने वाले नक्सलियों का बस्तर आईजी विवेकानंद सिन्हा ने समाज की मुख्यधारा में स्वागत किया है साथ ही उन्हें सहयोग और पुनर्वास का आश्वासन दिया गया है। जानकारी के मुताबिक आत्मसर्पण करने वाला 10 लाख का इनामी सोभी उर्फ नागू कतलाम नारायणपुर जिले के अंतर्गत अमदईघाट में एरिया कमाण्डर के रूप में पिछले कई वर्षों से काम कर रहा था। साल 2004 में सोभी को बाल नक्सली के रूप में संगठन में बलपूर्वक शामिल किया गया था। सोभी पर नारायणपुर जिले में कई बड़ी वारदातों में शामिल होने का आरोप है। वहीं आत्मसर्पण करने वाली महिला नक्सली सुमित्रा साहू पर भी पांच लाख का इनाम घोषित है। सुमित्रा अपने पति सोभी के साथ अमदईघाट क्षेत्र में एरिया कमेटी सदस्य के रूप में कार्यरत थी। उसके खिलाफ भी कई गंभीर अपराधिक मामले दर्ज हैं। इनके साथ ही एक अन्य नक्सली बुधसन उर्फ भारत पदामि ने भी आत्मसमर्पण किया है। बुधसन इरकानार डीलएकेएमएस का सदस्य था।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 October 2018

naksli bastar

सुकमा इलाके में पुलिस और सुरक्षा बलों की तेज कार्रवाई से बैकफुट पर आए नक्सली इन दिनों ग्रामीणों को अपना निशाना बना रहे हैं। बस्तर क्षेत्र में आए दिन ग्रामीणों की हत्या नक्सलियों द्वारा की जा रही है। सुकमा जिले के चिंतागुफा थाना क्षेत्र के मेटागुडेग इलाके में नक्सलियों द्वारा लगाए गए एक प्रेशर बम की चपेट में आने से दो ग्रामीणों की दर्दनाक मौत हो गई। ये ग्रामीण जंगल में मवेशी चराने गए थे। इसी बीच वे प्रेशर बम की चपेट में आ गए। मृतकों में एक महिला भी शामिल है। नक्सलियों ने यह प्रेशर बम पुलिस जवानों को निशाना बनाने के लिए लगाया था। क्षेत्र में सर्चिंग के लिए निकलने वाली पुलिस पार्टियां इसी रास्ते से होकर गुजरती हैं। पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा ने इस घटना की पुष्टि की है। हालांकि यह घटना 3 दिन पहले की है, लेकिन रिमोट एरिया होने की वजह से पुलिस को सोमवार को इस घटना की जानकारी मिली। सर्चिंग पर निकले सुरक्षा बलों को जंगल में दो शव नजर आए। ब्लास्ट की वजह से शवों के कई टुकड़े हो गए थे। मृतकों की अभी शिनाख्त नहीं हो पाई है। सुरक्षा के मद्देनजर क्षेत्र में सर्चिंग की जा रही है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 September 2018

naxli

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में बुधवार को सुरक्षा बलों की नक्सलियों से मुठभेड़ हो गई। मिली जानकारी के मुताबिक जिले के गोमपाड़ा और जीनेतोंग के जंगलों में नक्सलियों की संदिग्ध गतिविधियों के बारे में सूचना मिली थी। मुखबिर से मिली इस सूचना के आधार पर सुरक्षा बलों ने जब जंगल की घेराबंदी की गई तो दो नक्सलियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद जब सुरक्षा बलों ने गोली चलाई तो दो नक्सली बुरी तरह से घायल हो गए और अपना छोड़कर भाग गए।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 December 2017

जनअदालत

 सुकमा के छिंदगृढ ब्लॉक के ग्राम पंचायत कुंदनपाल में माओवादियों ने जनअदालत लगाकर डोलेरास सरपंच मुचाकी सुकड़ा के साथ ग्रामीण लखमा, अन्नू एवं बुधरा मंडावी की जमकर पिटाई की। कुकानार टीआई सलीम खाखा ने ग्रामीणों की सूचना पर एफआईआर दर्ज किए जाने की बात कही है। टीआई ने बताया कि नक्सलियों द्वारा की गई मारपीट के बाद से सरपंच मुचाकी सुकड़ा की हालत काफी गंभीर है। बावजूद नक्सली डर से परिजन सुकड़ा का इलाज कराने उसे अस्पताल लेकर नहीं आ रहे हैं। डोलेरास के घर में ही परिजन सुकड़ा का देसी उपचार करा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक रविवार को छिंदगढ़ ब्लाक के कुंदनपाल के पांडूपारा में कटेकल्याण एरिया कमेटी के सचिव व नक्सली कमांडर जगदीश ने कथित जनअदालत लगाकर डोलेरास सरपंच मुचाकी सुकड़ा पर जेल में बंद अपने साथियों को रिहा कराने जरूरी प्रयास नहीं करने का आरोप लगाते बंदूक के बट व डंडे से बेदम पिटाई की। इसके अलावा, माओवादियों ने जन अदालत में डोलेरास निवासी लखमा मंडावी, अन्नू मंडावी और बुधरा मंडावी पर पुलिस का मुखबिर होने का आरोप लगाते उनकी जमकर पिटाई की और उनके मोबाइल लूट लिए। रविवार को कुंदनपाल के पाण्डूपारा में बड़ी संख्या में नक्सलियों के जमावड़े की सूचना मिलने के बाद कुकानार टीआई सलीम खाखा की अगुवाई में जवानों की अलग-अलग टुकड़ी पांडूपारा के लिए रवाना हुई थी। फोर्स के आने की भनक लगते ही नक्सली आनन-फानन में जनअदालत खत्म कर भाग खड़े हुए। टीआई ने बताया कि मंगलवार को डोलेरास के ग्रामीणों ने कुकानार थाना पहुुंच नक्सलियों द्वारा जनअदालत में सरपंच समेत चार ग्रामीणों के साथ मारपीट किए जाने के मामले में एफआईआर दर्ज करवाई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 August 2017

चिंतागुफा

सुकमा के चिंतागुफा थाने में उस वक्त हड़कम्प मच गया जब जवानों ने जोरदार धमाके की आवाज सुनी। बम धमाके के बाद जवान अलर्ट हो गए। बताया गया कि चिंतागुफा थाने से लगभग एक किमी दूर जंगल में यह ब्लास्ट हुआ। ब्लास्ट कैसे हुआ और इसकी चपेट में कौन आया, इस संबंध में देर शाम तक कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल पाई थी। ऐसी आशंका जाहिर की जा रही है कि नक्सली जवानों को नुकसान पहुंचाने के लिए प्रेशर बम प्लांट करते रहे होंगे और उसी दौरान आईईडी ब्लास्ट हो गया होगा। इसके अलावा माओवादियों द्वारा लगाए गए प्रेशर आईईडी के चपेट में किसी जानवर के आने की वजह से ब्लास्ट होने की आशंका भी एएसपी नक्सल ऑपरेशन जितेंद्र कुमार शुक्ला ने जाहिर की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 July 2017

नक्सली मुठभेड़,तीन जवान शहीद

  छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में शनिवार को नक्सलियों और पुलिस फोर्स के बीच हुई मुठभेड़ में शहीद हुए जवानों की संख्‍या अब तीन हो गई है। शहीद जवानों में कांस्टेबल कट्टम राजकुमार, सहायक आरक्षक सुनम मनीष और राजेश कोरमा शामिल हैं। कट्टम राजकुमार सुकमा जिले के एर्राबोर के कोगड़ा गांव के रहने वाले हैं। जबकि सुनम मनीष सुकमा के ही दोरनापाल स्थित बोदिगुड़ा के रहने वाले हैं। वहीं राजेश कोरमा कांकेर जिले के रहने वाले है। घायल जवान का नाम मडकम चंद्रा है जो सुकमा के एर्राबोर स्थित तेतरी गांव के रहने वाले हैं। सुकमा एसपी अभिषेक मीणा ने बताया कि शनिवार सुबह पौने नौ बजे से शुरू हुई मुठभेड़ चार घंटे तक चली। जवानों ने कई नक्सलियों को मार गिराया, लेकिन उनके शव लेकर नक्सली भागने में सफल हो गए। तोंडामरका मुठभेड़ में पांच एसटीएफ जवानों के घायल होने की सूचना के बाद जगदलपुर से वायुसेना का हेलिकॉप्टर रवाना किया गया था। बारिश के बीच हेलिकॉप्टर घायल जवानों को लाने के लिए तोंडामरका के जंगलों में उतरा और घायलों को लेकर सुरक्षित रायपुर के लिए रवाना हुआ।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 June 2017

ieed blast

सुकमा जिले के दोरनापाल और मिसमा के बीच नक्सलियों ने शुक्रवार को आईईडी ब्लास्ट कर दिया, जिसमें दो जवान गंभीर घायल हो गए हैं। मिली जानकारी के मुताबिक दोनों घायल जवानों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रशासनिक सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक घायल जवानों को बेहतर इलाज के लिए हेलिकॉप्टर से राजधानी रायपुर भी रैफर किया जा सकता है। गौरतलब है कि जिल में बढ़ती नक्सली गतिविधियों के चलते सुरक्षा बलों ने इन दिनों ने सर्चिंग अभियान तेज कर दिया है। शुक्रवार को भी जब सुरक्षा बल सर्चिंग अभियान के निकलने थे तो नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट कर दिया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 May 2017

पोड़ियाम पंडा

  सुकमा जिले के चिंतागुफा के पूर्व सरपंच तथा सीपीआई के जिला परिषद के सदस्य पोड़ियाम पंडा को सुकमा पुलिस ने 15 दिन से अवैध हिरासत में रखा है। बस्तर संयुक्त संघर्ष समिति का आरोप है कि पंडा को पुलिस ने गांव से उठाया और परिजनों को कई दिनों तक इसकी सूचना नहीं दी। पंडा की पत्नी जब हाईकोर्ट पहुंची तो पुलिस ने आनन- फानन में उसे समर्पित नक्सली बता दिया। इधर सुकमा एसपी का कहना है पंडा नक्सली है। वह बुरकापाल, ताड़मेटला सहित कई बड़ी नक्सल वारदातों में शामिल रहा है। हम तो यह पता कर रहे हैं कि सीपीआई के कितने नेता हैं जो नक्सलियों की तरफ से हथियार उठा चुके हैं। बस्तर संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले बुधवार को आम आदमी पार्टी के राज्य संयोजक संकेत ठाकुर, सीपीएम के संजय पराते, सीपीआई नेता चितरंजन बख्शी और आरडीसीपी राव, पीयूसीएल के प्रदेश अध्यक्ष डॉ.लाखन सिंह तथा हाईकोर्ट की वकील प्रियंका शुक्ला ने मीडिया के सामने पंडा की पत्नी पोड़ियम मुये तथा उसके भाई कोमल को पेश किया। मुये ने गोंडी में बताया कि पंडा 15 साल तक चिंतागुफा के सरपंच रहे। वे पुलिस की भी मदद करते थे। गांव में हेलिपैड बनाने, सीआरपीएफ का कैंप खुलवाने सहित कई काम कराए। 2005 में नक्सलियों ने 7 सीआरपीएफ जवानों का अपहरण किया था तो पंडा छुड़ाने गए थे। कलेक्टर अलेक्स पॉल मेनन के अपहरण के समय भी सरकार की मदद दी। 2016 में नक्सली पंडा को उठाकर जनअदालत ले गए थे और उनसे काफी मारपीट की। मुये का कहना है 3 मई को वह मिनपा के पास खेत में मछली पकड़ने गया था। तभी पुलिस ने उसे पकड़ लिया और मौके पर ही जमकर मारपीट की। फिर उसे उठाकर ले गए। एसपी अभिषेक मीणा ने  कहा कि पंडा कई नक्सल वारदातों में शामिल रहा। उसने मीडिया के सामने कबूल किया है। वह पिछले साल भी सरेंडर करना चाहता था लेकिन नक्सलियों का भनक लग गई और उसके पीछे गार्ड लगा दिए। उसने 9 मई को सरेंडर किया था लेकिन हमने मामले को गोपनीय रखा। बुधवार को सरेंडर घोषित किया है। उसे सरेंडर पॉलिसी के तहत सभी मदद मिलेगी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 May 2017

दोरनापाल- जगरगुंडा

दोरनापाल से जगरगुंडा तक 56 किलोमीटर की सड़क पिछले चार दशक से सरकार के लिए चुनौती बनी हुई है। इसका निर्माण चल रहा है। कभी वनोपज का केंद्र और उप तहसील मुख्यालय रहे जगरगुंडा में अब कंटीले तारों से घिरा एक सलवा जुडूम कैंप है। तारों के पार मौत का सामान लेकर नक्सली खड़े रहते हैं। जगरगुंडा को दुनिया से जोड़ने के तीन रास्ते हैं, जिनमें से दो पर बम बिछे हैं और तीसरे पर जब चाहे तब नक्सली एंबुश लगाकर जवानों को शहीद कर देते हैं। यानी नक्सलवाद ने इसे टापू बना दिया है। इसी रास्ते पर 2010 में अब तक की सबसे बड़ी नक्सल वारदात हुई थी, जिसमें सीआरपीएफ के 76 जवान शहीद हुए थे। जगरगुंडा सड़क निर्माण को सुरक्षा दे रहे सीआरपीएफ के 25 जवानों की सोमवार को शहादत के बाद एक बार फिर यह सड़क सुर्खियों में है। इससे पहले बासागुड़ा की तरफ सड़क निर्माण सुरक्षा में लगे 24 जवान अलग- अलग हमलों में शहीद हुए हैं। जगरगुंडा से बीजापुर के बासागुड़ा तक, दंतेवाड़ा के अरनपुर तक और सुकमा के दोरनापाल तक तीन रास्ते हैं। दोरनापाल-जगरगुंडा 56 किमी सड़क पर कई घटनाएं हो चुकी हैं। 2008 में मुकरम के पास नक्सलियों ने सड़क काट दी थी। जगरगुंडा से एक पार्टी थानेदार हेमंत मंडावी के नेतृत्व में गड्ढा पाटने निकली और नक्सलियों के एंबुश में फंस गई। इसमें 12 जवानों ने शहादत दी। सड़क के लिए कई बार टेंडर निकाला गया, लेकिन कोई ठेकेदार सामने नहीं आया। डीजी नक्सल ऑपरेशन तथा पुलिस हाउसिंग बोर्ड के एमडी डीएम अवस्थी ने बताया कि अब पुलिस खुद सड़क बना रही है। बासागुड़ा और अरनपुर की ओर से आवा-जाही चार दशक से बंद है। दोरनापाल से एकमात्र रास्ता है जो जगरगुंडा तक जाता है। 2007 में जगरगुंडा में सलवा जुडूम कैंप खुलने के बाद नक्सलियों ने चिंतलनार के आगे 12 किमी मार्ग पर सभी पुल उड़ा दिए। बासागुड़ा और दोरनापाल दोनों ओर से जगरगुंडा सड़क बन रही है। बस्तर में कोंटा के मरईगुड़ा से भेज्जी, चिंतागुफा, जगरगुंडा, किरंदुल, दंतेवाड़ा, बारसूर, नारायणपुर, अंतागढ़ होते हुए राजनांदगांव में एनएच तक करीब 4 सौ किमी सड़क ऐसी है, जिसका अधिकांश हिस्सा नक्सलियों के कब्जे में है। भेज्जी में इसी सड़क पर बन रहे पुल की सुरक्षा में लगे जवानों पर 11 मार्च को हमला किया गया था, जिसमें 12 जवान शहीद हुए थे। बस्तर में सरकार एक हजार किमी लंबाई की 27 सड़कें बना रही है। बीजापुर से बासागुड़ा तक 52 किमी सड़क बन चुकी है। बीजापुर-गंगालूर 22 किमी सीसी सड़क बनाई गई है। इस साल केंद्रीय बजट में बस्तर के नक्सल इलाकों में 556 किमी सड़कों के लिए अलग से राशि मिली है। इससे नक्सली बेचैन हैं। नक्सली कहते हैं कि हमारे इलाके में किसी के पास साइकिल तक नहीं है। यहां सड़क की क्या जरूरत। सरकार सड़क इसलिए बना रही है ताकि यहां बड़ी कंपनियां आ पाएं और बस्तर के संसाधनों को लूट सकें। बीजापुर जिले में आवापल्ली-जगरगुंडा सड़क पर सीआरपीएफ के 24 जवानों ने शहादत दी है। दंतेवाड़ा जिले में अरनपुर-जगरगुंडा मार्ग पर सुरक्षा में तैनात एक जवान का पैर नक्सलियों के बिछाए प्रेशर बम की चपेट में आ गया। इसमें जवान की जान चली गई। बीजापुर जिले में भैरमगढ़ से बीजापुर तक एनएच 63 के निर्माण के दौरान नक्सलियों ने 13 बार ब्लॉस्ट किया। इन घटनाओं में 2 जवान शहीद हुए। बीजापुर में ही बासागुड़ा से तर्रेम तक 12 किमी सड़क निर्माण के दौरान कई बार आईईडी ब्लॉस्ट किया गया। दो जवान शहीद और कई घायल हुए।  गीदम से भैरमगढ़ के बीच सड़क निर्माण के दौरान पुंडरी के पास ब्लॉस्ट हुआ। इसमें सीएएफ का एक जवान शहीद हुआ। बीजापुर के मिरतुर मार्ग के निर्माण में सीएएफ के एक सहायक कमांडेंट शहीद हुए।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 April 2017

नक्सलियों ने किया ब्लास्ट ,11 जवान शहीद

सुकमा के  भेज्जी इलाके में नक्सलियों द्वारा किए गए धमाके में 11 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए। घटना में 3 जवान गंभीर रूप से घायल हैं। जवानों के शवों को जंगल से थाने लाया गया है। जानकारी के मुताबिक घटना भेज्जी पोस्ट के पास हुई है। नक्सलियों ने यहां आईईडी से धमाका किया और फिर गोलियां बरसाना शुरू कर दीं। नक्सलियों ने जवानों को चारों ओर से घेर रखा था। घटना में 11 जवान मौके पर ही शहीद हो गए। बताया जा रहा है कि इलाके में कुछ और आईईडी भी लगे हैं। घटना के बाद नक्स‍ली सीआरपीएफ जवानों के 10 हथियार भी लेकर भाग गए। सूचना मिलने के बाद रिइंफोर्समेंट पार्टी मौके पर पहुंची और घायल जवानों को अस्पताल पहुंचाया गया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 March 2017

दो नक्सली ढेर

बीजापुर व सुकमा जिले में रविवार को सुरक्षा बल व नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में एक महिला समेत दो वर्दीधारी नक्सली मारे गए।  बीजापुर जिले के पामेड़ थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कवरगट्टा में तेलंगाना के ग्रेहाउंड व डीआरजी के संयुक्त ऑपरेशन के दौरान नक्सलियों से मुठभेड़ हुई। दोनों पक्षों के बीच आधे घंटे तक चली गोलीबारी के बाद नक्सली भाग गए। इसके बाद एक महिला नक्सली का शव के साथ एक भरमार बंदूक जब्त किया गया। दूसरी घटना में सुकमा जिले के थाना किस्टारम के अंतर्गत डुब्बामरका में जिला बल व नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में एक नक्सली मारा गया, जो बटालियन नम्बर एक का सदस्य बताया जा रहा है। दोनों मामलों में मारे गए नक्सलियों की शिनाख्त नहीं हो सकी है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 February 2017

sukma hatya

सुकमा जिले के चिंतागुफा सीआरपीएफ कैम्प के ठीक सामने नक्सलियों ने ग्रामीण सुखदास की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी। मिली जानकारी के अनुसार सुखदास कैम्प के सामने गुमटी चलाता था। शाम करीब 6 नक्सली ग्रामीण वेशभूषा में पहुंचे। इसके पहले कि सुखदास कुछ समझ पाता, धारदार हथियार से उसका गला रेत भाग खड़े हुए। सुखदास की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद पुलिस आसपास सर्चिंग कर रही है। गौरतलब है कि पखवाड़े भर पहले ही नक्सलियों ने दिनदहाड़े सीआरपीएफ जवानों पर हमला किया था। इस प्रकार की घटनाएं यहां पहले भी हो चुकी हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 January 2017

ied bam

    सुकमा में नक्सलियों द्वारा जमीन में दबाकर रखे गए आईईडी को सुरक्षाबलों ने स्निफर डॉग की मदद से खोज निकाला। तोंगपाल थाना क्षेत्र के कासीरास मार्ग पर सर्चिंग सीआरपीएफ 227 की टीम सर्चिंग के लिए निकली थी। इस दौरान स्निफर डॉग ने जमीन के अंदर कोई चीज गड़े होने के संकेत दिए, जब वहां खुदाई की गई तो अंदर से पांच-पांच किलो के तीन आईईडी निकले। इसके साथ ही 16 मीटर इलेक्ट्रिक वायर, एक डेटोनेटर और पांच जिलेटिन की छड़ें भी बरामद की गई हैं। माना जा रहा है कि नक्सली किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे, लेकिन इससे पहले ही सुरक्षाबलों ने आईईडी बरामद कर लिए।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 December 2016

sukma

खबर सुकमा और धमतरी से है । 500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद कालाधन रखने वाले मुश्किल में आ गए हैं। वे कैसे भी अपना पैसा सफेद करना चाह रहे हैं। ऐसे में इन्हें पकड़ने के लिए छत्तीसगढ़  में जगह-जगह चेकिंग चल रही है। सुकमा में चेकिंग के दौरान पांच सौ और हजार रुपए के नोट के 27 लाख रुपए जब्त किए गए हैं। ये नोट सुकमा से लेकर जा रहे थे, कुकानार में तलाशी के दौरान उन्हें बरामद किया गया। जानकारी के मुताबिक यह सारा पैसा सुकमा में एक कपड़ा व्यापारी है। धमतरी के बिरनासिल्ली कैंप के पास चेकिंग के दौरान कार में एक बैग के अंदर रखे 500-500 नोट के 30 लाख 92 हजार रुपए बरामद किए गए। कार में दो शख्स दिलीप मिश्रा और वीरेंद्र मिश्रा सवार थे। जानकारी के मुताबिक ये दोनों दुर्ग के रहने वाले हैं और पैसा जगदलपुर से दुर्ग ले जाया जा रहा था। सिहावा पुलिस ने चेकिंग के दौरान इसे बरामद कर लिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 November 2016

japani bukhar

छिंदगढ़ ब्लॉक (सुकमा) के दो बच्चों की जापानी बुखार इनसेफेलाइटिस से मलकानगिरी अस्पताल में मौत हो गई। इस तरह जिले में जापानी बुखार से मरने वाले बच्चों की संख्या 3 व मलकानगिरी जिला अस्पताल में 80 पहुंच गई है। झीरमपाल के सोमनाथ यादव (2) को 28 अक्टूबर को व कुकानार के भंडाररास के संजय (3) को 30 अक्टूबर को मलकानगिरी अस्पताल में भर्ती किया गया था। गौरतलब है कि इस बीमारी से मलकानगिरी में 9 सितम्बर को पहली मौत हुई थी। 21 अक्टूबर को छिंदगढ़ ब्लॉक में झिरलीखुटी की भारती तेलगा की मौत जापानी बुखार से छत्तीसगढ़ में पहली मौत थी। बहरहाल मेडिकल कॉलेज जगदलपुर में 4 ब्लड सैम्पल पॉजीटिव पाए गए हैं, जिनमें एक बस्तर जिले के बकावंड ब्लॉक के बच्चे का भी है। सुकमा कलेक्टर नीरज बंसोड़ ने कहा है कि बचाव के लिए सभी एहतियाती कदम उठाए गए हैं। पं. जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज रायपुर के डॉक्टर-विशेषज्ञों की एक टीम सुकमा पहुंच गई है। मंगलवार को टीम के सदस्य सीएचएमओ के साथ गादीरास क्षेत्र के जरीमपाल पहुंचे, जहां जापानी बुखार से एक बच्चे की मौत हो चुकी है। दोपहर बाद टीम मलकानगिरी में भर्ती जिले के बीमार बच्चों को देखने गई।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 November 2016

malkangiri naksli

मलकानगिरी के जंगल में मुठभेड़ छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे ओडिशा के मलकानगिरी के जंगल में सोमवार सुबह हुई मुठभेड़ में ग्रे हाउंड फोर्स ने 18 नक्सलियों को मार गिराया। घटना में दो जवान घायल हो गए। मुठभेड़ बालीमेला थाना क्षेत्र के बेगांगी के जंगल में हुई है। पुलिस घटनास्थल पर सर्चिंग कर रही है, माना जा रहा है कि फायरिंग में करीब 22 नक्सली मारे गए हैं, इनमें से 18 नक्सलियों के शव बरामद किए गए हैं। इनके पास से चार एकके 47, दो एसएलआर और दो इंसास बंदूके बरामद की गई हैं। पुलिस को सूचना मिली थी कि नक्सली नेता गजाराल रावी उर्फ उदय, बेनगाल सुधीर और अनिल बैठक के‍ लिए जंगल में आए हैं। इस सूचना पर रविवार शाम से ही इलाके में फोर्स को तैनात किया गया था। आंध्र प्रदेश की ग्रे हाउंड फोर्स और विशाखापट्टनम आर्मड स्पेशल पार्टी ने इसे अंजाम दिया। पुलिस के अनुसार मारे गए नक्सलियों में बड़ा नक्सली नेता और पूर्वी डिविजन का सेकेट्री छालापती उर्फ अप्पा राव, मलकानगिरी डिविजन सेकेट्री गजारला रावी और मुन्ना सहित सेंट्रल कमेटी का सदस्य रामकृष्ण उर्फ आरके शामिल हैं। जबकि मुठभेड़ में बाकुरी वेंकटरमण उर्फ गणेश भागने में कामयाब हो गया। गौरतलब है कि तीन दिन पहले छत्तीसगढ़ के जगदलपुर में 15 नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया था। पुलिस के मुताबिक इलाके में सक्रिय नक्सलियों को अपने नेताओं से मोहभंग हो चुका है। राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं की कामयाबी के चलते नक्सली मुख्य धारा में जुड़ने की कोशिश कर रहे हैं।पहले पिछले महीने छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में नक्सलियों का सबसे बड़ा आत्मसमर्पण किया था। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 October 2016

सुकमा मुठभेड़

बीजापुर में IED ब्लास्ट में जवान घायल सुकमा के मराईगुड़ा  विरापुरम में नक्सली से मुठभेड़ की सूचना मिल रही है। इस मुठभेड़ को डीआरजी कोबरा व सीआरपीएफ की संयुक्त कार्रवाई के परिणाम स्वरूप देखा जा रहा है। जानकारी के अनुसार इस कार्रवाई के दौरान एक नक्सली ढेर हो गया है और इसकी पहचान सोडी गंगा जन मिलिशिया कमांडर के रूप में बताई जा रही है। इसके साथ घटनास्‍थल से भारी मात्रा में बंदूक, जेलिटिन और डेटोनेटर बरामद किए गए है। साथ ही दैनिक उपयोग की चीजें भी भारी मात्रा में बरामद की गई हैं। आईईडी धमाके में जवान घायल  बीजापुर जिले के बासागुडा थाना क्षेत्र में आईईडी धमाके में सीआरपीएफ कोबरा बटालियन का जवान घायल हो गया। जवान बसागुडा से तार्रेम रोड के निर्माण कार्य की सुरक्षा में लगे थे। घायल जवान का इलाज किया जा रहा है। इसके पहले सुकमा जिले में गुरुवार तड़के कोंटा थाना क्षेत्र अंतर्गत नीलममडगू के जंगल में हुई मुठभेड़ में एक एलओएस सदस्य मड़कम हुंगा मार गिराया गया था। एसपी सुकमा आईके एलेसेला ने बताया कि पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि इलाके में हथियारबंद नक्सलियों की मूवमेंट चल रही है। इस आधार पर कोंटा थाने से डीआरजी व एसटीएफ की संयुक्त पार्टी रवाना की गई थी। ग्राम नीलममडगू के जंगल में पहुंचते ही घात लगाए नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की। कुछ देर बाद नक्सली भाग खड़े हुए। मौके की सर्चिंग पर एक पुरुष नक्सली का शव व एक भरमार बंदूक बरामद किया गया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 September 2016

सुकमा में मुठभेड़

  छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सुरक्षा बलों के साथ हुई गोलीबारी में आज दो नक्सली मारे गए। सुकमा के पुलिस अधीक्षक इंदिरा कल्याण एलेसेला ने बताया, ‘यह मुठभेड़ आज तड़के फुलबागदी थाना क्षेत्र के घने जंगलों में हुई। उस समय सुरक्षा बलों का एक संयुक्त दल माओवादी-विरोधी अभियान पर गया था।’ उन्होंने कहा कि जिला रिजर्व ग्रुप (डीआरजी), छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल (सीएएफ) और स्थानीय पुलिस के एकीकृत दस्ते ने विशेष जानकारी के आधार पर यहां से लगभग 450 किलोमीटर दूर स्थित फुलबागदी के आंतरिक इलाकों में अभियान शुरू किया था। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि उग्रवादियों की ओर से सुरक्षा बलों पर गोलियां चलाए जाने के बाद दोनों पक्षों के बीच गोलीबारी शुरू हो गई। यह मुठभेड़ पुलिस थाने से लगभग आठ किलोमीटर दूर हुई। उग्रवादी घने जंगलों की ओट में जल्दी ही भाग निकलने में कामयाब हो गए। उन्होंने कहा, ‘इलाके की तलाशी के दौरान, दो पुरूष माओवादियों के शव और दो बंदूकें मौके से बरामद की गईं।’ उन्होंने कहा कि गश्त दल के अपने शिविर लौट आने पर उग्रवादियों की पहचान सुनिश्चित की जाएगी। कल बस्तर संभाग के दो अलग-अलग स्थानों पर सुरक्षा बलों ने तीन नक्सलियों को मार गिराया था। आज की मुठभेड़ के साथ ही इस साल बस्तर में हुई मुठभेड़ों में मरने वाले माओवादियों की संख्या 99 हो गई है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 September 2016

 पोलावरम परियोजना

  पोलावरम के विरोध में क्षेत्रीय दलों का बना मजबूत गठजोड़ छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी) द्वारा पोलावरम परियोजना के विरोध में चलाया जा रहा आंदोलन उस समय और प्रबल हो उठा जब उसे ओडिशा की सत्ताधारी पार्टी बीजू जनता दल(बीजद) का साथ मिल गया। पूर्व घोषणानुसार छजकां ने  जगदलपुर से सुकमा होते हुए मलकानगिरी तक बस यात्रा निकाली। इस यात्रा का नेतृत्व मरवाही विधायक अमित जोगी व छजकां नेता धरमजीत सिंह ने किया। इस दौरान  वरिष्ठ कांग्रेस विधायक सियाराम कौशिक भी पोलावरम परियोजना का विरोध करने के लिए पहुंच गए और बस यात्रा में शामिल हुए। इस दौरान मलकानगिरी में बीजेडी और छजकां  दोनों ही दलों के हजारों कार्यकर्ता मौजूद थे। मलकानगिरी पहुंचने के बाद "बस यात्रा" एक सभा में तब्दील हो गई। यहां ओडिशा के बीजद सरकार में शहरी विकास मंत्री पुष्पेंद्र सिंहदेव और मलकानगिरी के बीजद विधायक मानस मडकामी ने धरमजीत सिंह व अमित जोगी का स्वागत किया। संयुक्त सभा को ओडिशा सरकार के मंत्री  पुष्पेंद्र सिंहदेव, विधायक मानस मडकामी और छजकां के धरमजीत सिंह, मरवाही विधायक अमित जोगी व कांग्रेस विधायक सियाराम कौशिक ने संबोधित किया। अमित जोगी ने सभा को ओड़िया में संबोधित कर उपस्थिति सभी लोगों का मनमोह लिया । ओडिया में बोलते हूए उन्होंने कहा कि मैं, बीजू जनता दल के सभी साथियों, मलकानगिरी निवासियों,  पुष्पेंद्र सिंहदेवजी तथा विधायक भाई मानसजी का हृदय से धन्यवाद देता हूँ कि आपने हमे अपने बीच आने का मौका दिया। मैं केवल इतना कहूंगा कि पोलावरम के विरोध में हम सब एक हैं। मोदीजी को छत्तीसगढ़ और ओडिशा के साथ अन्याय नहीं करने देंगे। छत्तीसगढ़ और ओडिशा का एक इंच भी जमीन हम डूबने नहीं देंगे।  राष्ट्रीय पार्टियां भाजपा और कांग्रेस को ओडिशा और छत्तीसगढ़ के लोगों से कोई लेना देना नहीं है। अपने फायदे के लिए पोलावरम बना रहे हैं,  और दोनों तरफ के लोगों को डुबाना चाहते हैं। लेकिन हम ऐसा होने नहीं देंगे।  जमीन से मिट्टी उठाते हुए अमित जोगी ने कहा कि ये मिट्टी माँ है हमारी, इसे हमसे कोई नहीं छीन सकता। हम मिलकर लड़ेंगे।  बीजेडी के साथ पोलावरम और महानदी दो अलग-अलग मुद्दों पर अमित जोगी ने कहा कि पोलावरम से बस्तर डूबेगा और इसलिए जो पोलावरम का विरोध करेगा हम उसके साथ हैं। जहाँ तक महानदी की बात है बीजेडी अपने राज्य के हितों के लिए लड़ रही है और हम अपने। महानदी पर हमारा निति और नियत साफ़ है - महानदी पर पहला अधिकार छत्तीसगढ़ के किसानों का है। और उन्हें उनका अधिकार दिलाने हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। हमे बैराजों से कोई आपत्ति नहीं लेकिन उद्योगों के साथ साथ सिंचाई के लिए कितना पानी उपलब्ध होगा, होगा भी या नहीं। इन्ही सब बातों को लेकर हमने रमन सरकार से श्वेत पत्र जारी करने कहा है ताकि जनता जान सके सरकार की नियत क्या है। अभी तक जो भी घटनाक्रम हुआ है, उससे ये साफ़ है कि केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार केवल इस मामले में राजनीति कर इसे लटकाए रखना चाहते हैं . बीजेडी ओडिशा का राजनैतिक दल है, उनके अपने क्षेत्रीय मुद्दे हैं, हमारा बीजेडी का विरोध करने का कोई औचित्य ही नहीं बनता।  हम छत्तीसगढ़ के राजनैतिक दल हैं, हमारी लड़ाई छत्तीसगढ़ के लिए है, बदहाल व्यवस्था से है, रमन सरकार की खोटी नीति से है। महानदी मामले में हमारी लड़ाई सरकार के दोगलेपन से है।  अमित जोगी ने कहा कि मैंने पहले भी कहा है महानदी से अगर छत्तीसगढ़ के किसानों को फायदा नहीं होगा तो ये छत्तीसगढ़ सरकार की नाकामी है किसी और दल या संगठन को दोष देने का कोई अर्थ नहीं बनता। छजकां के वरिष्ठ नेता एवं छत्तीसगढ़ विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष धर्मजीत सिंह ने मलकानगिरी में अपने संबोधन में कहा कि पोलावरम परियोजना का मामला सर्वोच्च न्यायालय में लंबित है, फिर भी केंद्र सरकार ने इसे राष्ट्रीय परियोजना घोषित कर इसके सभी खर्च वहन करने का आदेश जारी कर दिया जो छत्तीसगढ़, तेलंगाना और ओडिशा तीनों राज्यों के प्रभावित लाखों लोगों के साथ अन्याय है । पोलावरम परियोजना बस्तर के एक बड़े हिस्से को न सिर्फ डूबो देगी बल्कि संरक्षित जनजातियों एवं खनिज संपदाओं का भी सर्वनाश कर देगी । छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी) ने केंद्र सरकार से मांग की है कि प्रभावित क्षेत्रों में तत्काल जनसुनवाई की व्यवस्था की जाए तथा प्रभावित क्षेत्रों का जॉइंट सर्वे कराया जाए जिससे पोलावरम परियोजना के प्रभावित क्षेत्रों में पर्यावरण तथा सामाजिक प्रभाव का सही आंकलन हो सके। ज्ञात हो कि अभी तक प्रभावित क्षेत्रों में होने वाले नुक्सान के जितने आंकडें या रिपोर्ट सामने आयी है वो सभी सर्वे केवल आँध्रप्रदेश सरकार द्वारा किये गए हैं जिसकी विश्वसनीयता पर छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जोगी) ने सवाल उठाया है। पोलावरम के विरोध में कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक सियाराम कौशिक भी छजकां की जगदलपुर से मलकानगिरी तक की  "बस यात्रा" में शामिल हुए । ओडिशा के मलकानगिरी में संयुक्त सभा को संबोधित करते हुए बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक ने कहा मैं पहले छत्तीसगढ़िया हूँ। छत्तीसगढ़ का हित और यहाँ के लोगों का भविष्य मेरी पहली प्राथमिकता है । सियाराम ने कहा कि 45 हज़ार बस्तरवासियों के सर्वनाश होने से रोकने के लिए, दलगत निष्ठा से ऊपर उठकर पोलावरम परियोजना के विरुद्ध एक साथ मिलकर लड़ने की आवश्यकता है।प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष और साथी कांग्रेसी विधायकों से अपील करते हुए सियाराम कौशिक ने कहा कि वो दिल्ली के दबाव से न डरें, बस्तरवासियों के हित में पोलावरम के विरुद्ध आवाज़ उठाएं।  सियाराम कौशिक ने कहा कि कन्हेर, रिहन्द और पोलावरम, इसी तरह छत्तीसगढ़ डूबता रहा तो एक दिन छत्तीसगढ़ का नामोनिशान मिट जाएगा। इसलिए छत्तीसगढ़ के सभी राजनैतिक दलों का पहला धर्म और पहला कर्तव्य छत्तीसगढ़ के हितों की रक्षा करना होना चाहिए चाहे उसके लिए जो भी करना पड़े। पोलवरम के विरुद्ध छजकां, टीआरएस और बीजद एक साथ मिलकर काम करने की इच्छा जाहिर कर चुके हैं । राष्ट्रपति से संयुक्त रुप से मिलकर पोलावरम का विरोध करने तथा आने वाले दिनों में संयुक्त विशाल जनांदोलन खड़ा करने को छजकां अंतिम रूप दे रही है। पोलावरम परियोजना के विरोध में पहले तेलंगाना राष्ट्रीय समिति (टीआरएस) और अब बीजू जनता दल (बीजद) के साथ आने से छजकां का मनोबल और बढ़ गया है। विधायक अमित जोगी पोलावरम का विरोध काफी समय से करते आ रहे हैं इसी सिलसिले में उनका प्रयास रहा है कि  पोलावरम के विरोध में सभी क्षेत्रीय ताकतें एकजुट हों। उनके प्रयासों का ही नतीजा है कि पहले उन्हें टीआरएस का समर्थन हासिल हुआ और यह तय हुआ था कि दोनों क्षेत्रीय दल छत्तीसगढ़ एवं तेलेंगाना के लोगों के हितों की रक्षा के लिए में नीलू (जल), निदुलु (निधि) तथा नियामकालु (रोजगार) की सैद्धान्तिक लड़ाई साझा रूप से साथ मिलकर लड़ेंगे। इसके बाद अब पोलावरम के विरोध में बीजद का भी समर्थन हासिल होने के बाद यह आंदोलन और भी मजबूत हुआ है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 September 2016

pastar death

        छत्तीसगढ़ के घोर नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के एक चर्च के पास्टर की आंध्रप्रदेश में नक्सलियों ने शनिवार अल सुबह हत्या कर दी है। बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी के शक में उसकी हत्या की है।    घटना छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले से लगे आंध्र के चितूर मंडल के लक्षेगुडम गांव की है।पास्टर मरैया सुकमा जिले के मिटा गांव के चर्च का पास्टर था। वह कुछ सालों से चितूर मंडल के लक्षेगुंडम गांव में रह रहा था। खबर है कि मरैया के एक साथी कनिथी राजू का नक्सलियों ने अपहरण भी कर लिया है। पर्चा छोड़ ली जिम्मेदारी नक्सलियों ने पास्टर का शव जिस जगह छोड़ा वहां एक तेलुगू में लिखा पर्चा भी मिला है।पर्चे में भाकपा (माओवादी) ने हत्या की जिम्मेदारी लेते हुए पास्टर पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 July 2016

kondagown

    छत्तीसगढ़ की सुकमा एवं कोंडागांव जिला पुलिस ने दबिश देकर अलग अलग स्थानों से दो नक्सलियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।   कोंडागांव एसपी संतोष सिंह ने बताया कि बयानार थाने से गश्त सर्चिंग के लिए रवाना हुयी पुलिस की संयुक्त पार्टी ने पेरमापाल के जंगल में दबिश देकर जनमिलिशिया सदस्य जगधर उर्फ जुगधर सलाम उम्र 30 साल को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि जुगधर वर्ष 2015 मेें मड़ानार स्कूलपारा जाने वाले पंगडंडी रास्ते में पाईप बम लगाने तथा वर्ष 2014 में सुगाय सलाम एवं उसके परिवार वाले को अन्य नक्सलियों के साथ मिलकर घर में बंद कर मारपीट करने में शामिल रहा है।   इधर सुकमा एसपी आईके एलेसेला ने बताया कि जिले की गादीरास पुलिस ने बड़ेशेट्टी के जंगल से एक नक्सली कलमू आयता उर्फ पायका, आयु 30 निवासी बड़ेशेट्टी को धरदबोचा है। कमलू हत्या का प्रयास एवं तोडफ़ोड़ आगजनी जैसी संगीन वारदातों संलिप्त रहा है।   नक्सलियों ने किया आरक्षण का अपहरण छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में माओवादियों ने आज दोपहर एक सहायक आरक्षक मड़कम गंगा का अपहरण कर लिया।  पुलिस सूत्रों के अनुसार सुकमा जिले में कार्यरत आरक्षक मड़कम गंगा आज सुबह अपनी मोटरसायकल में सवार होकर दोरनापाल से पोलमपल्ली की ओर जा रहा था। मध्य जंगल में गोरगुण्डा के पास 15-20 सशस्त्र नक्सलियों ने उसे रोका और अपहरण कर जंगल की ओर ले गये। सुकमा एसपी आईके एलेसेला ने अपहरण की पुष्टि करते हुए बताया कि अपहरण की सूचना मिलते ही उसकी पतासाजी के लिए पुलिस पार्टियां रवाना कर दी गयी हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 July 2016

sukma naksali

    सुकमा जिले में मारी गई कथित महिला नक्सली की पीएम रिपोर्ट मंगलवार को चीफ जस्टिस की डीबी में खोली गई। इसमें महिला के साथ दुष्कर्म नहीं होने की बात कही गई है। इसके अलावा पहली पीएम रिपोर्ट और कोर्ट के आदेश पर गठित टीम की रिपोर्ट में अंतर पाया गया। इस पर कोर्ट ने याचिकाकर्ताओं को एक सप्ताह के अंदर रिजवाइंडर प्रस्तुत करने का आदेश दिया है। मामले में अगली सुनवाई 4 जुलाई को होगी।   सुकमा के कोंटा थाना क्षेत्र में मारी गई कथित महिला नक्सली मड़कम हिड़मे का हाईकोर्ट के आदेश पर दूसरा पोस्टमार्टम कर सोमवार को रिपोर्ट प्रस्तुत की गई थी। मंगलवार को चीफ जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस संजय के. अग्रवाल की डीबी में पीएम रिपोर्ट को खोला गया। महारानी अस्पताल में पहली बार किए गए पोस्टमार्टम और जगदलपुर मेडिकल कॉलेज में विशेषज्ञों की टीम द्वारा किए गए पीएम की रिपोर्ट में अंतर पाया गया। दोनों रिपोर्ट में गोली लगने की जगह में अंतर है।   कपड़ा की स्थिति में भी अंतर बताया गया। इसी प्रकार दूसरे पीएम में शव के पूरी तरह गलने की बात कही गई है। साथ ही मृतका के साथ दुष्कर्म नहीं होने की रिपोर्ट दी है। इस पर याचिकाकर्ता के अधिवक्ता ने आपत्ति करते हुए कहा कि जब शव पूरी तरह गल गया है तो दुष्कर्म नहीं होने की बात कैसे कही जा रही है। दोनों ही पीएम रिपोर्ट और टीआई के जवाब में अंतर है। डीबी ने सुनवाई के बाद याचिकाकर्ता के अधिवक्ता को एक सप्ताह के अंदर दोनों ही पीएम रिपोर्ट, पुलिस के जवाब समेत अन्य बिंदु पर रिजवाइंडर प्रस्तुत करने का आदेश दिया है।   मड़काम लक्ष्मी ने अधिवक्ता अमरनाथ पांडेय के माध्यम से हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी। इसमें कहा गया है कि सुकमा जिले के कोंटा थाना क्षेत्र के गोमपाड़ा निवासी युवती मड़कम हिड़मे को सुरक्षा बल के जवान घर से उठाकर ले गए और दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर दी। शव को नक्सली ड्रेस पहनाकर घरवालों के हवाले कर दिया गया। सुरक्षा बल ने उसके मुठभेड़ में मारे जाने का दावा किया।   याचिका में शव को कब्र से निकालकर विशेषज्ञ से पीएम कराने, दोषियों के खिलाफ दुष्कर्म व हत्या का अपराध दर्ज करने और मृतका के परिजनों को 20 लाख रुपए मुआवजा दिलाने की मांग की गई है। याचिका में सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने शासन को शव का पीएम कराने और रिपोर्ट प्रस्तुत करने का आदेश दिया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 June 2016

naksali sukma kill

      जगदलपुर में  नक्सल विरोधी अभियान के दौरान पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस और नक्सलियों के बीच आज हुई मुठभेड़ में एक नक्सल डिप्टी कमांडर मारा गया है। पुलिस से मिली प्रारंभिक जानकारी के अनुसार डीआरजी दल के साथ हुई मुठभेड़ में कटेकल्याण एरिया के डिप्टी कमांडर सुखराम को पुलिस ने मार गिराया है। इससे राइफल, टिफिन बम, नक्सल पर्चों के साथ जरुरत का सामान भी बरामद किया गया है।   22 हत्याओं का आरोपी नक्सली पकड़ा गया  नारायणपुर में 44 जवानों एवं 2 ग्रामीणो की खून की होली खेलकर जमीन को लाल करने वाले इनामी नक्सली कमांडर को पुलिस ने दस साल के अभियान के बाद सलाखों के पीछे किया है। झाराघाटी पुलिस के द्वारा रोहताड से लगे खंडाला के जंगल में दबिश देकर हार्डकोर नक्सली को पकडा है। 13 स्थायी वारंट पर लंबे समय से इसकी तलाश की जा रही थी । एसडीओपी सीडी तिर्की ने बताया कि सोमवार को झारा थाना प्रभारी रोहित मालेकर के नेतृत्व में जिला बल ,डीआरजी एवं सीएएफ की संयुक्त पार्टी एरिया डॉमिनेशन की कार्रवाई के लिए महिमागवा डी की ओर रवाना हुई थी । सुरक्षाबलों के रोहताड पहुंचने के बाद उन्हे खंडाला के जंगल में हार्डकोर नक्सली होने के जानकारी मिली जिसके बाद जवान तत्काल पोजिशन लेते हुए खंडाला के जंगल की ओर ब ढने लगे । वहां पहुंचते ही संदिग्ध अवस्था में घूम रहे नक्सली धनसिंह कोर्राम (35)उर्फ सुखदेव पिता मंगल कोर्राम निवासी बडेंगहोल को दबिश देकर गिरफ्तार किया गया । उन्होंने बताया कि धनसिंह बयानार एलजीएस में उप कमांडर एवं कोंगेंरा मिलिशिया में कमांडर के रूप में कार्य कर रहा था । इस पर एसपी के द्वारा छोटेडोंगर एवं धौ डाई थाना में दस-दस हजार रूपए का इनाम घोषित किया गया था । वहीं अंताग ढ,मर्दापाल,बयानार एवं कोंडागांव थाना में धनसिंह के खिलाफ अन्य मामले बताए जा रहे है। गिरफ्त में आए नक्सली के द्वारा किए गए ब डी घटनाओं में 29 जून 2010 को कौशलनार के पास एबुंश लगाकर 27 सीआरपीएफ के जवानों को शहीद करने एवं झाराकैंप पर हमला कर सीएएफ के पांच जवानों की हत्या करने का मामला चल रहा है। इससे साथ ही अन्य दर्जनो मामले है जिस पर हत्या, हत्या का प्रयास, लूट ,अपहरण , डकैती एवं शस्त्र अधिनियम के अपराध में संलिप्ता पाएं जाने पर मामला कायम किया गया है। जिसे न्यायालय में पेशकर जेल भेद दिया गया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 May 2016

naksali-three

    छत्तीसगढ़ की सुकमा  पुलिस ने दबिश देकर तीन नक्सलियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।  पकड़े गए नक्सलियों के खिलाफ कई गंभीर अपराध दर्ज हैं ।   सुकमा एएसपी संतोष सिंह ने बताया कि थाना गादीरास से प्रभारी मोहसीन खान के नेतृत्व में सीआरपीएफ व जिला बल की संयुक्त पार्टी सर्चिंग के लिए ग्राम गोंदपल्ली व कोर्रा की ओर रवाना हुई थी। इस दौरान कुछ संदेही पुलिस को देख भागने लगे, जिन्हें घेराबंदी कर पकड़ा गया पूछताछ में इनकी शिनाख्ती नक्सल सदस्य रवा जोगा पिता गंगा, बंजाम बुदरा पिता सोमा तथा सा़ेढी हुंगा पिता पांडु निवासी कुचारास के रूप में हुई। पकड़े गए तीनों आरोपी डीएकेएमएस सदस्य बताए गए हैं, इनके विरूद्घ थाना गादीरास में पंचायती चुनाव के दौरान गड़बड़ी फैलाने समेत कई गंभीर अपराध लंबित हैं।   ग्रेनेड लांचर व एके 47 लेकर माओवादी थाने से फरार   बीजापुर जिले के बासागुड़ा थाने से गिरफ्तार  माओवादी देवा घातक हथियार लेकर फरार हो गया। घटना के बाद से पुलिस की कई टीमें देवा की पतासाजी में जुटी हैं।   पुलिस सूत्रों के अनुसार बुधवार को देवा को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ करने में जुटी हुयी थी। इस बीच देवा मौका पाकर एके 47,  उसकी 90 गोलियां, यूबीजीएल और उसके 8 हाई एक्सप्लोसिव ग्रेनेड लेकर फरार हो गया। यूबीजीएल एक घातक हथियार है। जो गुरिल्ला लड़ाई के लिए कारगर माना जाता है। इससे चार सौ मीटर की दूरी तक के गोले दागे जा सकते हैं। इससे हेलिकॉप्टर भी गिराया जा सकता है। ऐसा हथियार माओवादी के हाथ लगने से पुलिस परेशानी में पड़ गयी है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 May 2016

Video
Advertisement
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.