Since: 23-09-2009

  Latest News :
मणिपुर में 3.5 तीव्रता का भूकंप.   दार्जिलिंग में लिकुवीर के पास एनएच-10 बंद.   जम्मू-कश्मीर से आतंकवाद के सफाये के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी सरकार: केन्द्रीय गृह मंत्री शाह .   बाबा के जयकारों से गूंज उठा कैंची धाम.   नार्काे-आतंकवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़.   गाजियाबाद के लोनी स्थित पॉलिथीन बनाने की फैक्टरी में भीषण आग.   पिता परिवार की नींव, हमारी बुनियाद हैं .   जल गंगा संवर्धन अभियान को मिला अपार जनसहयोग : मुख्यमंत्री डॉ यादव.   दाऊदी बोहरा समाज ने मनाया ईद का पर्व, मस्जिदों में हुई विशेष नमाज.   एक साथ कॉम्बिंग पर निकले 15 हजार से अधिक पुलिसकर्मी.   कांग्रेस आउट सोर्स प्रकोष्ट का सरकार के खिलाफ हल्लाबोल आंदोलन.   ऐतिहासिक भोजशाला में 85वें दिन भी जारी रहा एएसआई का सर्वे.   भीम रेजीमेंट के रायपुर संभाग का अध्यक्ष जीवराखन बांधे गिरफ्तार.   कांग्रेस व भाजपा ने सतनामियों को सिर्फ प्रताड़ित किया : अमित जोगी.   संघर्ष के दिनों की यादें साथ लेकर मुख्यमंत्री से मिलने आए जशपुर के अनेर सिंह.   नक्सल मुठभेड़ में घायल जवान ने कहा ठीक होते ही और मारूंगा.   मुख्यमंत्री साय ने तीसरे दिन भी ली विभिन्न विभागों की समीक्षा बैठक.   बलौदाबाजार हिंसा पर जस्टिस गौतम भादुड़ी ने लिया स्वतः संज्ञान.  
चुनाव ड्यूटी में जाने से पहले कोर्स पूरा कराने में जुटे शिक्षक
raipur, Teachers busy,election duty

रायपुर। प्रदेश में अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए स्कूलों में पढ़ाई तेज कर दी गई है। अतिरिक्त कक्षाएं लगाकर शिक्षक पाठ्यक्रम को पूरा कराने में जुटे हैं। कुछ ही दिनों में प्रदेश में आचार संहिता लग जाएगी। चुनाव की घोषणा होते ही शिक्षकों को चुनाव कार्य के लिए प्रशिक्षण देना शुरू हो जाएगा।

 

जिला शिक्षा अधिकारी की तरफ से स्कूलों को समय पर पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए निर्देशित किया गया है, ताकि छात्रों की पढ़ाई प्रभावित न हो। डीइओ कार्यालय की तरफ से शिक्षा सत्र शुरू होने के समय से ही कब तक कितना कोर्स पूरा हो जाना चाहिए, यह निर्धारित हो जाता है। लेकिन, इस वर्ष प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने के कारण निर्धारित समय-सारणी के अनुसार पढ़ाई करवाने से पाठ्यक्रम पूरा नहीं होगा।

इसलिए स्कूलों के प्राचार्यों द्वारा अपनी सुविधा के अनुसार कोर्स पूरा करने के लिए शिक्षकों को निर्देश दिए गए हैं। चुनाव के दौरान लगभग एक महीने की पढ़ाई प्रभावित होती है। स्कूलों में मतदान केंद्र बनाए जाते हैं, शिक्षकों की ड्यूटी लगती है।

 

त्योहारी सीजन के चलते भी पढ़ाई होती है प्रभावित

प्रदेश में चुनाव और त्योहारी सीजन साथ-साथ आते हैं। इसलिए भी पढ़ाई ज्यादा प्रभावित होती है। नवरात्रि, दीपावली जैसे बड़े त्योहारों में लगभग 10 दिनों की छुट्टी रहती है। त्योहार और चुनाव के कारण दो महीनों में लगभग 20 से 25 दिन की पढ़ाई प्रभावित होती है। अभी लगातार त्योहार होने के कारण छुट्टियां भी चल रही हैं।

फरवरी- मार्च में होती हैं बोर्ड परीक्षाएं

प्रदेश में दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षाएं फरवरी के अंतिम अथवा मार्च के प्रथम सप्ताह से शुरू हो जाती हैं। चुनाव के बाद बोर्ड की परीक्षा देने वाले छात्रों के पास ज्यादा समय नहीं बचता है। इसलिए दसवीं-बारहवीं कक्षाओं के कोर्स को पूरा करने के लिए शिक्षक ज्यादा ध्यान दे रहे हैं। फरवरी में प्रायोगिक परीक्षाओं के बाद स्कूलों में छात्रों को प्रिपरेशन लीव दी जाती है। बोर्ड परीक्षार्थियों के पास तैयारी करने के लिए मुख्य समय अक्टूबर से जनवरी तक ही रहता है। इसी दौरान चुनाव भी है।

MadhyaBharat 1 October 2023

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.