Since: 23-09-2009

  Latest News :
नागालैंड में 23वें हॉर्नबिल उत्‍सव के आयोजन की सभी तैयारियां पूरी.   भारत जी-20 की अध्‍यक्षता ग्रहण करेगा .   गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान की तैयारियां पूरी.   भाजपा के वरिष्‍ठ नेता नरेंद्र मोदी ने गुजरात में एक चुनाव रैली को संबोधित किया.   विद्युत मंत्रालय ने बिजली संकट से जूझ रहे राज्यों की करेगा सहायता .   गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण का प्रचार आज थमेगा .   सबसे विश्वसनीय माध्यम है समाचार पत्र - प्रो.केजी सुरेश.   केन्द्रीय वित्त मंत्री के समक्ष हुआ राज्य का प्रेजेन्टेशन.   जो दूसरों को जीते वह वीर और जो स्वयं को जीत ले वह महावीर : मुख्यमंत्री .   सभी के सहयोग से सीहोर को भारत के अग्रणी नगरों में एक बनायेंगे:मुख्यमंत्री .   मध्यप्रदेश के इतिहास में बिजली की सर्वाधिक मांग.   मुख्यमंत्री चौहान सीहोर गौरव दिवस समारोह में देंगे अनेक सौगातें.   छात्राओं ने जाना अभिव्यक्ति ऐप्प के बारे में.   किसानों के लिए मीठा एवं लाभप्रद साबित हो रहा अब वनांचल का खारी नाला .   मुख्यमंत्री के निर्देश पर आवागमन साधनों को मजबूत किया जा रहा .   अतिवृष्टि से प्रभावित पीड़ितों की सहायता .   जिले के दो उप स्वास्थ्य केन्द्र को मिला राष्ट्रीय गुणवत्ता प्रमाण पत्र.   बैंक एवं प्रशासनिक अधिकारी आम जन के हित में बेहतर समन्वय के साथ काम करें .  

देश की खबरे

नागालैंड में 23वें हॉर्नबिल उत्‍सव के आयोजन की सभी तैयारियां पूरी

  नागालैंड में 23वें हॉर्नबिल उत्‍सव के आयोजन की सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। यह उत्‍सव नागा विरासत ग्राम किसामा में कल से 10 दिसंबर तक आयोजित होगा। उपराष्‍ट्रपति जगदीप खनखड़ मुख्‍य अतिथि के रूप में उद्घाटन समारोह में शामिल होंगे। पर्यटन, कला और संस्‍कृति विभाग में सलाहकार एच. खेहोवी येपूथोमी ने बताया कि उत्‍सव के सफल संचालन के लिए सभी आवश्‍यक प्रबंध किए गए हैं। उन्‍होंने बताया कि भारत में फ्रांस के राजदूत इमेनुअल ल‍िनेन, दक्षिण एशिया के लिए व्‍यापार आयुक्‍त और पश्चिम एशिया के लिए ब्रिटिश उप-उच्‍चायुक्‍त एलेन गेमेल और भारत में ऑस्‍ट्रेलिया के उच्‍चायुक्‍त बैरी ओ'फैरेल भी उद्घाटन समारोह में शामिल होंगे।  येपूथोमी ने कहा कि बुल्‍गारिया के राजदूत इलियोनोरा दिमित्रोवा, नौसेना प्रमुख एडमिरल हरि कुमार, दक्षिण एशिया कार्यालय में विदेश विभाग के निदेशक रिकिट और अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ के अध्‍यक्ष कल्‍याण चौबे भी आयोजन में भाग लेंगे। दस दिन के इस उत्‍सव के लिए पांच करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है।   मेघालय मंत्रिमंडल की बैठक में सबसे पहली मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य और सामाजिक देखभाल नीति पारित की गई मेघालय मंत्रिमंडल की आज की बैठक में अब तक की सबसे पहली मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य और सामाजिक देखभाल नीति पारित की गयी । इस नीति के पारित होने से मेघालय पूर्वोत्‍तर में ऐसी नीति बनाने वाला पहला राज्‍य और देश में तीसरा राज्‍य बन गया है। इस नीति की परिकल्‍पना समग्र मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य और कल्‍याण को बढ़ावा देना है।मुख्‍यमंत्री कोनार्ड के. संगमा ने बताया कि यह नीति विशेष रूप से बच्‍चों, किशोरों और युवाओं के लिए मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य पर समुचित ध्‍यान सुनिश्चित करेगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 November 2022

भारत जी-20 की अध्‍यक्षता ग्रहण करेगा

कल देश की सौ इमारतों पर रोशनी की जाएगी भारत कल जी-20 की अध्‍यक्षता औपचारिक रूप से ग्रहण करेगा। इस सिलसिले में कल देश भर में सौ ऐतिहासिक इमारतों पर जी-20 के लोगो के साथ रोशनी की जायेगी। इस लोगो को भारतीय राष्‍ट्रीय ध्‍वज के रंगों केसरिया, सफेद, हरे तथा नीले रंग से प्रेरित होकर तैयार किया गया है। लोगो में प्रकृति के साथ सामंजस्‍य रखने की प्रति भारत की जीवन दृष्टि के तौर पर दर्शाया गया है। जी-20 लोगो के नीचे देवनागरी लिपि में भारत लिखा हुआ है। जी-20 की भारत की अध्‍यक्षता को वसुधैव कुटुम्‍बकम के रूप में अंकित किया गया है जिसका अर्थ है संपूर्ण पृथ्‍वी एक परिवार है और इसका एक ही भविष्‍य है। वसुधैव कुटुम्‍बकम पृथ्‍वी पर मौजूद सभी मानव, वन्‍य जीव, पेड़-पौधे और उनके एक दूसरे के प्रति सम्‍बन्‍ध का सूचक है। जी-20 की अध्‍यक्षता भारत के लिए बहुत बड़ा अवसर है जिससे देश को विश्‍व मंच पर प्रतिष्‍ठा मिलेगी। इस संबंध में करीब 32 विभिन्‍न क्षेत्रों से जुड़े विषयों पर देश के अलग अलग भागों में लगभग 200 बैठकें आयोजित की जायेंगी। श्रीलंका भारत संघ के अध्‍यक्ष किशोर रेड्डी ने कहा है कि जी-20 की अध्‍यक्षता भारत को मिलना एक महान अवसर है। भारत जी-20 के मंच पर श्रीलंका जैसे देशों के हितों की रक्षा करेगा। रेड्डी ने कहा कि आने वाले एक साल में विभिन्‍न स्‍थानों पर जी-20 से जुड़ी बैठकों के आयोजन से भारत के प्रति वैश्विक दृष्टिकोण का विस्‍तार होगा। उन्‍होंने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकीय क्षेत्र में भारत की विशेषज्ञता को वैश्विक स्‍तर पर पहचान मिलेगी। भारत इस साल जी20 देशों की अध्यक्षता करेगा। इसका एलान पहले ही हो चुका है। वहीं, एक दिसंबर को औपचारिक रूप से भारत जी20 की अध्यक्षता ग्रहण करेगा। इस मौके को खास बनाने के लिए केंद्र ने विशेष तैयारियां की हैं। सरकारी सूत्रों ने बताया है कि इस अवसर पर देश भर में 100 से अधिक स्मारकों पर G20 लोगो को दिखाया जाएगा। इसके लिए विशेष तैयारियां भी गई हैं।  अध्यक्षता ग्रहण करने के बाद जी20 शिखर सम्मेलन तक देश भर के 50 शहरों में 200 से अधिक बैठकों की योजना बनाई गई है। इनमें से कुछ बैठकों की मेजबानी करने के लिए देश के उन हिस्सों का चयन किया गया है जिनके बारे में लोगों को बेहत कम जानकारी है।जी20 की अध्यक्षता का एलान होने के बाद पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जी20 के नए लोगो-थीम और वेबसाइट का अनावरण किया था। इस मौके पर संबोधित करते हुए उन्होंने कहा था कि G-20 का ये Logo केवल एक प्रतीक चिन्ह नहीं है बल्कि ये एक संदेश है। ये एक भावना है, जो हमारी रगों में है। ये एक संकल्प है, जो हमारी सोच में शामिल रहा है। पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि एक दिसंबर से भारत G20 की अध्यक्षता करेगा। भारत के लिए यह एक ऐतिहासिक अवसर है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 November 2022

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान की तैयारियां पूरी

कल होंगे विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान गुजरात में कल होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के लिए सभी तैयारियां कर ली गई हैं। इस चरण में 89 सीटों के लिए कुल 788 उम्मीदवार मैदान में हैं। दक्षिण गुजरात, सौराष्ट्र और कच्छ क्षेत्र के 19 जिलों में कल मतदान होगा। मतदान सुबह आठ बजे शुरू होगा और शाम पांच बजे समाप्त हो जायेगा। लगभग दो करोड 40 लाख मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। चुनावकर्मी चुनाव सामग्री लेकर मतदान केंद्रों पर पहुंच गए हैं। राज्य में शांतिपूर्ण मतदान सुनिश्चित कराने के लिए आवश्यक सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। आपको बता दें गुजरात की  182 विधानसभा की सीटों का दो चरणों में मतदान होना है। जिसमे पहले चरण के मतदान के लिए कल 1 दिसंबर को चुनाव होगा।  पहले चरण के मतदान में 19 जिलों की 89 सीटों पर चुनाव होंगे।  पहले चरण में गुजरात के सौराष्ट्र और दक्षिणी गुजरात की सीटों पर वोट डाले जाएंगे।  सभी राजनीतिक दलों के 788 दावेदार चुनावी मैदान में उतरे हैं।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 November 2022

भाजपा के वरिष्‍ठ नेता नरेंद्र मोदी ने गुजरात में एक चुनाव रैली को संबोधित किया

भाजपा के शासन में राज्य में शांति और समृद्धि सुनिश्चित करने का आश्वासन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के दौरे पर हैं। भाजपा के वरिष्‍ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गुजरात में भावनगर के पालीताणा में एक चुनाव रैली को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि राज्य में लोगों के बीच एकता और शांति है जिसकी वजह से गुजरात विकास की नई ऊंचाईयों को छू रहा है। पीएम मोदी ने भाजपा के शासन में राज्य में शांति और समृद्धि सुनिश्चित करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि सौनी योजना की वजह से सौराष्ट्र में कृषि के क्षेत्र में बड़ा बदलाव हुआ है। इस योजना के कारण ही नर्मदा नदी का पानी इस क्षेत्र में पहुंच सका है। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस साम्प्रदायिकता तथा बांटो और राज करो की नीति अपना रही है।पीएम मोदी ने कहा कि लोगों का ये आशीर्वाद विकसित गुजरात बनाने का संकल्प बता रहा है।  मेरे आदिवासी भाई बहन आत्मनिर्भर बनें. गुजरात ने विकसित होने के लिए सभी दिशा में आगे बढ़ने का काम किया।  आपका आशीर्वाद मुझे नई ताकत देगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अबकी बार बीजेपी की पहले से भी ज्यादा सीटें आएंगी. हम भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता भाग्यशाली हैं कि आप आज इतनी बड़ी संख्या में हमारे सभी उम्मीदवारों को जिताने के लिए मैदान में उतरे हैं. हर जगह एक ही बात सुनाई दी, संकल्प पत्र इतना स्पष्ट, इतना व्यापक है कि अब बीजेपी की सीटें पहले से भी ज्यादा बढ़ जाएंगी.   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 November 2022

विद्युत मंत्रालय ने बिजली संकट से जूझ रहे राज्यों की करेगा सहायता

सहायताके लिए साढ़े चार हजार मेगावाट बिजली खरीद योजना शुरू की ऊर्जा मंत्रालय ने शक्ति नीति के अंतर्गत पांच वर्षों में 45 सौ मेगावाट बिजली की खरीद की योजना शुरू की है। मंत्रालय ने कहा है कि इस योजना से उन राज्यों को लाभ होगा, जिन्हें बिजली की कमी का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही, बिजली घरों की क्षमता में वृद्धि करने में भी मदद मिलेगी। बिजली वित्त निगम कंसल्टिंग लिमिटेड को इसके लिए नोडल एजेंसी नियुक्त किया गया है। उसकी ओर से चार हजार पांच सौ मेगावाट बिजली की आपूर्ति के लिए बोलियां आमंत्रित की गई हैं। यह आपूर्ति अगले वर्ष अप्रैल से शुरू होगी। गुजरात ऊर्जा विकास निगम, महाराष्ट्र राज्य बिजली वितरण कंपनी लिमिटेड, मध्य प्रदेश ऊर्जा प्रबंधन कंपनी लिमिटेड, नई दिल्ली नगर निगम और तमिलनाडु उत्पादन और वितरण निगम लिमिटेड ने इस योजना में रूचि प्रदर्शित की है। इस योजना के तहत बोलियों की अंतिम तिथि 21 दिसंबर है। पहली बार शक्ति योजना के अंतर्गत इस तरह बोलियां मांगी गई हैं। भारत में कोयला उत्‍पादन के विकास और आवंटन में पारदर्शिता  की योजना शक्ति 2018 में शुरू की गई थी। इसका उद्देश्य कोयले की कम आपूर्ति के कारण संकटग्रस्‍त बिजली इकाइयों को कोयला उपलब्ध कराना है।                  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 November 2022

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण का प्रचार आज थमेगा

19 जिलों की 89 सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण का प्रचार आज शाम थम जाएगा। निर्वाचन आयोग ने पहली दिसंबर को होने वाले मतदान की तैयारियां पूरी कर ली हैं। इस चरण में 19 जिलों की 89 सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे। राज्‍य में पहले चरण का मतदान बहुत महत्‍वपूर्ण माना जाता है। इस चरण में जिन जिलों में मतदान होना है, वे हैं- कच्छ, सुरेंद्र नगर, मोरबी, राजकोट, जामनगर, देवभूमि द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, गिर सोमनाथ, अमरेली, भावनगर, बोटाद, नर्मदा, भरूच, सूरत, तापी, डांग्स, नवसारी और वलसाड।मुख्‍य मुकाबला कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी के बीच है। मुख्य चुनाव अधिकारी पी. भारती ने बताया कि मतदान केन्द्रों और कर्मचारियों की सभी जरूरी व्यवस्था हो चुकी है। मतदान के दौरान उपयोग में ली जानेवाली ईवीएम और वीवीपैट भी तैयार है। आयोग ने चुनाव के दौरान महिला और दिव्‍यांग मतदाताओं के सशक्‍तीकरण के लिए विशेष इंतजाम किए हैं। इसके तहत कई ऐसे केन्‍द्र बनाए गए हैं, जहां मतदान की पूरी व्यवस्‍था महिला कर्मचारियों के हाथों में होगी। इसी प्रकार कुछ कें‍द्र दिव्‍यांगों द्वारा संचालित भी किए जाएंगे। इसके अतिरिक्‍त ऐसे वरिष्‍ठ और दिव्‍यांग मतदाता, जो मतदान कें‍द्र तक आने में असमर्थ हैं, उनके लिए परिवहन की सुविधा भी प्रदान की जाएगी। राज्य में दो चरणों में होने वाले विधानसभा चुनाव में प्रथम चरण में 70 महिलाओं सहित सात सौ 88 प्रत्याशी मैदान में हैं। इस चरण में दो करोड़ 39 लाख 76 हजार छह सौ 70 मतदाता वोट डालेंगे, जिनमें एक करोड़ 24 लाख 33 हजार तीन सौ 62 पुरुष, एक करोड 15 लाख 42 हजार आठ सौ 11 महिला तथा चार सौ 97 ट्रांसजेंडर शामिल हैं। मतदान के लिए 25 हजार चार सौ 30 मतदान केन्‍द्र बनाए गए हैं। सबसे अधिक 44 उम्‍मीदवार लिंबायत सीट से खड़े हुए हैं। कांग्रेस और राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी चुनाव पूर्व गठबंधन कर चुकी है। मतगणना हिमाचल प्रदेश के साथ 8 दिसंबर को कराई जाएगी।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 November 2022

गुजरात विधानसभा के प्रथम चरण का प्रचार चरम पर

राजनीतिक दल मतदाताओं को आकर्षित करने के प्रयास कर रहे हैं गुजरात में विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए राजनीतिक दलों ने मतदाता को आकर्षित करने के लिए पूरा जोर लगा दिया है। इस चरण के लिए पहले दिसम्‍बर को मतदान होगा। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्‍ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी सहित अन्‍य नेताओं ने आज कई जगहों पर रैली की। पीएम  मोदी ने नेत्रांग और खेड़ा में चुनावी रैलियां की। उन्‍होंने कहा कि कुछ राजनीतिक दल सत्‍ता में आने के लिए शॉटकट के रूप में तुष्टिकरण की नीतियों का उपयोग कर रहे हैं। आतंकवाद के मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने कहा कि जबतक वोट वैंक की राजनीति होती रहेगी तब तक आतंकवाद का खात्‍मा नहीं किया जा सकता। उन्‍होंने कहा कि लम्‍बे समय तक गुजरात आतंकवाद से पीडि़त रहा और तब केन्‍द्र में मौजूद कांग्रेस सरकार ने कुछ नहीं किया। बाद में प्रधानमंत्री ने सूरत में भी रैली की। कांग्रेस अध्‍यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और वरिष्‍ठ नेता अशोक गहलोत ने दोपहर बाद दादीपाड़ा में जनसभा की। आम आदमी पार्टी के राष्‍ट्रीय संयोजक अरविन्‍द केजरीवाल सूरत में रोड शो करने वाले हैं। पीएम मोदी के गृह राज्य गुजरात में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। पिछली विधानसभा यानि कि 2017 में बीजेपी की सरकार बनी थी। इस बार के चुनाव में सभी पार्टियां अपनी दावेदारी पेश कर चुनाव जीतने की कोशिश में हैं। उम्मीदवारों की घोषणा हो चुकी है। इस बार की लड़ाई बीजेपी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच होने जा रही है। गुजरात में मतदान दो चरणों में सपन्न होंगे। प्रथम चरण का मतदान 1 दिसंबर को होना है और दूसरे चरण का मतदान 5 दिसंबर को होगा। वहीं 8 दिसंबर को मतों की गणना की जाएगी जिसके बाद परिणामों का ऐलान हो जायेगा। अगर हम बात करें वागरा विधानसभा सीट पर चुनाव की तो यहां पहले चरण में 1 दिसंबर को मतदान होगा। इलेक्शन कमीशन की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, गुजरात विधानसभा चुनाव में वागरा सीट से 17 उम्मीदवार मैदान में हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 November 2022

देश में पिछले आठ वर्ष में दुग्‍ध उत्‍पादन में रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी

दूध उत्पादन में आठ करोड तीस लाख टन की  बढोत्‍तरी   देश में पिछले आठ वर्ष में दुग्‍ध उत्‍पादन में आठ करोड तीस लाख टन की आश्‍चर्यजनक बढोत्‍तरी हुई है। वर्ष 2013-14 में दुग्‍ध उत्‍पादन 13 करोड 80 लाख टन था जो 2021-22 में बढ़कर 22 करोड दस लाख टन हो गया। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने इस उपलब्धि पर कहा है कि डेयरी क्षेत्र में क्रान्तिकारी बदलाव से नारी स‍शक्तीकरण को भी बढ़ावा मिलेगा। केन्‍द्रीय मत्‍स्‍य, पशुपालन और डेयरी मंत्री पुरूषोत्‍तम रूपाला ने कहा कि डेयरी और पशुपालन क्षेत्र में पिछले आठ वर्ष में हुए बदलावों और नीतिगत निर्णयों के कारण यह संभव हुआ है। उन्‍होंने कहा कि मोदी सरकार ने इस क्षेत्र के लिए बड़े बजट का आवंटन किया जबकि पिछली सरकारों में इसकी अनदेखी की गई। केन्‍द्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार ने पूरे देश में पशुओं में खुरपका और मुंहपका रोग के लिए टीकाकरण कार्यक्रम चलाया।  पुरूषोत्‍तम रूपाला ने बताया कि पहले टीकाकरण अभियान रोग नियंत्रण कार्यक्रम के रूप में कुछ चयनित राज्‍यों और जिलों में चलाया जाता था, लेकिन अब इसे पूरे देश में रोग उन्‍मूलन कार्यक्रम के रूप में शुरू किया गया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 November 2022

शून्य कोविड में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का जमकर विरोध

  कोविड रोधी कठोर नीति के विरोध में चीन में बड़े स्‍तर पर प्रदर्शन   चीन में कड़े कोविड प्रतिबंधों को लेकर रविवार की रात शंघाई में सैकड़ों प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प हुई। राष्‍ट्रपति षी चिनपिंग की कड़ी कोविड रोकथाम नीति और लॉकडाउन से परेशान लोग सड़को़ं पर उतर आए। वे सख्‍त प्रतिबंधों का विरोध कर रहे थे। उरूम्की में हुई गोलीबारी को लेकर यह विरोध प्रदर्शन कई शहरों में फैल गया। पेईचिंग के चाओयांग जिले में सैकड़ों युवा एकत्र हुए, जहां उन्‍होंने विरोध प्रदर्शन में हिस्‍सा लिया। चाओयांग जिले में सभी दूतावास स्थित हैं। चीन में शी जिनपिंग की शून्य कोविड नीति के खिलाफ लोगों ने मोर्चा खोल रखा है. लोग सड़क पर उतरकर नीति का विरोध कर रहे हैं. लोगों का एक ही नारा है, लॉकडाउन हटाओ. इस बीच खबर है कि विरोध प्रदर्शन में अबतक 10 लोगों की मौत भी हो चुकी है। चीन में अब भी कोरोना की दहशत है।  देश में कोविड-19 के रोजाना मामले रिकार्ड छू रहे हैं। शुक्रवार को 32695 नये मामले सामने आये।  जिसमें 1860 बीजिंग के हैं तथा ज्यादातर में इस महामारी के लक्षण नहीं हैं।   इधर शी जिनपिंग की शून्य कोविड नीति का देश में विरोध भी होने लगा है।  लोग सड़क पर उतर गये हैं और लॉकडाउन वापस लेने की मांग कर रहे हैं। चीन में शी जिनपिंग की शून्य कोविड नीति के खिलाफ लोगों ने मोर्चा खोल रखा है।  लोग सड़क पर उतरकर नीति का विरोध कर रहे हैं।  लोगों का एक ही नारा है, लॉकडाउन हटाओ। वहीं  विरोध प्रदर्शन में अबतक 10 लोगों की मौत की खबर भी  है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 November 2022

जी-20 बैठक के अंर्तगत वित्त मंत्रियों का सम्‍मेलन अगले वर्ष आयोजित किया जायेगा

बैठकों की मेजबानी के लिए भारत के विभिन्न शहरों को चुना गया   केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया है कि भारत की अध्यक्षता में जी-20 बैठक के अंर्तगत वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गवर्नरों का सम्‍मेलन अगले वर्ष फरवरी में आयोजित किया जायेगा। वे कल बेंगलुरू में वननम स्टार्टअप इंक्लूसिविटी शिखर सम्मेलन को संबोधित कर रहीं थी। केंद्रीय वित्त मंत्री ने स्टार्ट-अप से कहा है कि वे इस कार्यक्रम के माध्‍यम से अंतरराष्ट्रीय मेहमानों के सामने अपनी क्षमताओं का परिचय दें। वित्त मंत्री ने कहा, अगले साल जी-20 से संबंधित बैठकों की मेजबानी के लिए भारत के विभिन्न शहरों को चुना गया है। अन्य मुद्दों के बारे में वित्‍त मंत्री ने कहा कि डिजिटल लेनदेन में तेजी से पारदर्शिता बढी है और ग्राहक सशक्‍त हुये हैं‍। उन्होंने कहा कि अब भारत में हर महीने औसत रूप से छह अरब डॉलर का डिजिटल लेनदेन हो रहा है। टेली संजीवनी ने टेली परामर्श के माध्यम से सात करोड़ लोगों को विशेषज्ञों से परामर्श में मदद की है। विदेशों से भी मरीजों ने इन सेवाओं का उपयोग किया है और इलाज के लिए भारत आ रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 November 2022

विदेश मंत्री सुब्रह्मणयम जयशंकर का बयान

   केन्‍द्र सरकार पूर्वोत्‍तर क्षेत्र में संपर्क और बुनियादी ढांचे में सुधार लाने के लिए काम कर रही है विदेशमंत्री डॉक्टर सुब्रह्मणयम जयशंकर ने कहा है कि केन्द्र सरकार पूर्वोत्तर क्षेत्र में संपर्क और बुनियादी सुविधाओं में सुधार के लिए काम कर रही है। वे कल इम्फाल में, मणिपुर विश्व विद्यालय की ओर से भारतीय विदेश नीति पर आयोजित सत्र को संबोधित कर रहे थे। पूर्वोत्तर में संपर्क में सुधार के महत्व पर जोर देते हुए डॉक्टर जयशंकर ने कहा कि इससे दुनिया के वैश्विक बाजारों और कार्यक्षत्रों में मणिपुर की पहुंच बनेगी। डॉक्टर जयशंकर ने वैश्विकरण और लोगों के जीवन में उसके प्रभाव का उल्लेख किया और देश की उपलब्धियों के वैश्विक महत्व पर अपने विचार साझा किये। विदेश मंत्री ने इम्फाल में  व्यापार समुदाय के साथ भी बातचीत की। एक ट्वीट में डॉक्टर जयशंकर ने कहा कि क्षेत्र को उपलब्ध कराए जा रहे संसाधनों से ही दिख जाएगा कि मोदी सरकार मणिपुर सहित पूर्वोत्तर क्षेत्र को सर्वाधिक प्राथमिकता देती है। उन्होंने कहा कि जी-20 संगठन की अध्यक्षता भारत को मिलने से मणिपुर सहित देश के विभिन्न स्थानों पर खुशी का माहौल है। डॉक्टर जयशंकर ने कहा कि जी-20 के माध्यम से पूर्वोत्तर क्षेत्र में पर्यटन के लाभों को दुनिया को बताया जाएगा। डॉक्टर जयशंकर ने संगाई उत्सव में भी भाग लिया। उन्होंने कहा कि मणिपुर की विरासत और परंपराओं से साक्षात्कार करना अद्भुत अनुभव रहा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 November 2022

जी-20 समूह की अध्‍यक्षता भारत के लिए एक बड़ा अवसर

प्रधानमंत्री ने की अपने मन की बात    प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि जी-20 समूह की अध्‍यक्षता भारत के लिए विश्‍व की भलाई और विश्‍व कल्‍याण का एक बड़ा अवसर है। आज आकाशवाणी से मन की बात कार्यक्रम में उन्‍होंने कहा कि जी-20 की विश्‍व जनसंख्‍या में दो-तिहाई, विश्‍व व्‍यापार में तीन-चौथाई और विश्‍व सकल घरेलू उत्‍पाद में 85 प्रतिशत की भागीदारी है। पीएम मोदी ने कहा कि ये इसलिए भी विशेष हो जाता है कि भारत को यह जिम्‍मेदारी आजादी के अमृतकाल में मिली है। उन्‍होंने कहा कि शांति हो या एकता, पर्यावरण के प्रति संवेदनशीलता हो या टिकाऊ विकास, भारत के पास इन सबसे जुड़ी चुनौतियों का समाधान है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने एक धरा, एक परिवार और एक भविष्‍य का नारा दिया है जो वसुधैव कटुम्‍बकम के प्रति हमारे संकल्‍प को प्रदर्शित करता है। प्रधानमंत्री ने तेलंगाना के राजन्ना सिरसिल्‍ला जिले के एक बुनकर येल्धी हरिप्रसाद गारू की चर्चा की जिन्‍होंने उन्‍हें जी-20 का प्रतीक चिह्न यानी लोगो अपने हाथों से बुनकर भेजा है। पीएम मोदी ने कहा कि आगामी दिनों में, जी-20 की भारत की अध्‍यक्षता से जुड़े कई कार्यक्रम देशभर में आयोजित किए जाएंगे। उन्‍होंने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि यह हमारी संस्‍कृति के विविधतापूर्ण और विशिष्‍ट रंगों से विश्‍व समुदाय के परिचय का एक अवसर होगा। प्रधानमंत्री ने विद्यालयों, महाविद्यालयों और विश्‍वविद्यालयों से अपील की कि वे जी-20 से जुड़ी चर्चाओं, बहसों और प्रतियोगिताओं के अवसर सृजित करें। प्रधानमंत्री ने 18 नवंबर को एक ऐतिहासिक दिन बताया, जब निजी क्षेत्र के पहले रॉकेट विक्रम-एस को अंतरिक्ष में भेजने में सफलता मिली। उन्‍होंने कहा कि अंतरिक्ष कार्यक्रम से जुड़े अन्‍य देशों के मुकाबले इसकी लागत बहुत कम है। प्रधानमंत्री ने बताया कि भारत अंतरिक्ष के क्षेत्र में अपनी सफलता को अपने पड़ोसी देशों के साथ भी साझा कर रहा है। भारत ने कल ही एक उपग्रह का प्रक्षेपण किया है, जिसे भूटान के साथ मिलकर विकसित किया है।पीएम मोदी ने कहा कि इस उपग्रह से उच्‍च गुणवत्‍ता वाली तस्‍वीरें प्राप्‍त होंगी जिससे भूटान को अपने प्राकृतिक संसाधनों के प्रबंधन में सहूलियत होगी। उन्‍होंने कहा कि यह प्रक्षेपण भारत और भूटान के प्रगाढ़ संबंधों को दर्शाता है। प्रधानमंत्री ने अंतरिक्ष, प्रौद्योगिकी और नवाचार के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय कार्य के लिए युवाओं की प्रशंसा की। प्रधानमंत्री ने प्रौद्योगिकी से जुड़े नवाचार के बारे में कहा कि भारत ड्रोन के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्‍होंने कहा कि कुछ ही दिन पहले हिमाचल प्रदेश के किन्‍नौर जिले में ड्रोन की मदद से सेब की खेप लाई गई। प्रधानमंत्री ने मस्‍कुलर डिस्ट्रॉफी के प्रति जागरूकता बढ़ाने की अपील की क्‍योंकि यह बीमारी मेडिकल चिकित्‍सा विज्ञान के लिए एक बड़ी चुनौती बनी हुई है। यह एक जीन संबंधी बीमारी है जो किसी भी उम्र में हो सकती है जिससे शरीर की मांसपेशियां कमजोर पड़ने लगती हैं। पीएम मोदी ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के सोलन में मानव मंदिर नामक केंद्र में मस्‍कुलर डिस्ट्रॉफी के इलाज की दिशा में एक नई आशा जगी है। प्रधानमंत्री ने महात्‍मा गांधी की डेढ़ सौवीं जयंती पर बापू के पसंदीदा भजन को आवाज देने वाले ग्रीस के गायक कोंसतान्तीनोस कलाजिस की चर्चा की। जिनमें भारतीय संगीत के प्रति जबरदस्‍त लगाव है। श्री मोदी ने कहा कि कलाजिस को भारत से इतना लगाव है कि उन्‍होंने पिछले 42 वर्षों में लगभग हर वर्ष भारत का दौरा किया है। प्रधानमंत्री ने इस बात पर प्रसन्‍नता व्‍यक्‍त की कि पिछले आठ वर्षों में भारत से वाद्य यंत्रों का निर्यात साढ़े तीन गुना बढ़ गया है। भारतीय वाद्य यंत्रों के प्रमुख खरीदारों में अमरीका, जर्मनी, फ्रांस, जापान और ब्रिटेन शामिल हैं। पीएम मोदी ने इसे सौभाग्‍य का विषय बताया कि भारत में संगीत, नृत्‍य और कला की विरासत इतनी समृद्ध है। प्रधानमंत्री ने महान संत - कवि भर्तृहरि की चर्चा की जिन्‍होंने अपनी विख्‍यात कृति नीति शतक में लिखा है कि कला, संगीत और साहित्‍य से लगाव ही मानवता की असली पहचान है। पीएम मोदी ने कहा कि हमारी संस्‍कृति इसे मनुष्‍यता से ऊपर उठाकर देवत्‍व तक ले जाती है। प्रधानमंत्री ने गयाना में हुए भजन-कीर्तन का अंश साझा किया। उन्‍होंने कहा कि 19वीं और 20वीं सदी में बड़ी संख्‍या में भारतीय गयाना गए थे, जहां वे अपने साथ बहुत-सी भारतीय परंपराओं को भी ले गए। इसी तरह भारत से फिजी गए लोग भी रामचरितमानस से जुड़े पारंपरिक भजन-कीर्तन गाया करते हैं। प्रधानमंत्री ने परंपरा और पारंपरिक ज्ञान को सहेजने के लिए नागालैंड में किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य में लिडी-क्रो-यू नाम का संगठन है जो राज्‍य की संस्‍कृति के उन आयामों को पुनर्जीवित करने का प्रयास कर रहा है जो लुप्‍तप्राय होने की कगार पर हैं। प्रधानमंत्री ने श्रोताओं से उनके क्षेत्र में किए जा रहे ऐसे अन्‍य विशिष्‍ट प्रयासों को साझा करने की अपील की। प्रधानमंत्री ने शिक्षा के महत्‍व पर उत्‍तर प्रदेश के हरदोई जिले के बांसा गांव के जतिन ललित सिंह की चर्चा की। उन्‍होंने दो वर्ष पूर्व अपने गांव में सामुदायिक पुस्‍तकालय और संसाधन केंद्र की स्‍थापना की है जहां प्रतिदिन गांव के करीब 80 विद्यार्थी अध्‍ययन के लिए आते हैं। प्रधानमंत्री ने झारखंड के संजय कश्‍यप की भी चर्चा की जो राज्‍य के कई जिलों के बच्‍चों के लिए लाइब्रेरी मैन बन गए हैं। पीएम  मोदी ने कहा कि पुस्‍तकालय खोलने का उनका यह मिशन आज एक सामाजिक आंदोलन का एक रूप ले चुका है। वहीं तेलंगाना के राजन्‍ना सिरसिला जिले के हरि प्रसाद ने अपने द्वारा बुना हुआ जी-20 इंडिया लोगो स्‍वीकार करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को धन्‍यवाद दिया है। प्रधानमंत्री ने भारत में होने वाले जी-20 सम्‍मेलन के महत्‍व को दर्शाने के लिए हरिप्रसाद के प्रयासों की आज मन की बात कार्यक्रम में सराहना की थी। हरिप्रसाद इस सराहना से बेहद खुश हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 November 2022

भारतीय नौसेना और ओमान की शाही नौसेना ने द्विपक्षीय समुद्री अभ्‍यास किया

   छह दिन के इस अभ्‍यास को ओमान के तट पर संचालित किया गया भारतीय नौसेना और ओमान की शाही नौसेना ने द्विपक्षीय समुद्री अभ्‍यास नसीम अल बहर में भागीदारी की। इस अभ्‍यास में भारत के आईएनएस त्रिकंड, समुद्री निगरानी पोत आईएनएस सुमित्रा और समुद्री निगरानी विमान डोरनियर ने हिस्‍सेदारी की। छह दिन के इस अभ्‍यास को ओमान के तट पर संचालित किया गया। इसके दौरान जमीनी कार्रवाई, हवाई सीमा की रक्षा और समुद्री निगरानी जैसी गतिविधियों का अभ्‍यास किया गया। इन गतिविधियों से दोनों देशों की नौसेना में एक-दूसरे की कार्यशैली और कार्यप्रणालियों की समझ विकसित हुई। दोनों नौसेनाओं ने मैत्रीपूर्ण वातातरण में अभ्‍यास संपन्‍न किया। भारतीय नौसेना के पोत त्रिकंड और सुमित्रा त‍था ओमान के पोत अल-शिनास और अल-सीब इस अभ्‍यास में शामिल हुए। नौसेना अभ्‍यास से भारत और ओमान के द्विपक्षीय संबंधों को नई मजबूती मिली है। दोनों देशों के पारंपरिक रूप से प्रगाढ़ और मैत्रीपूर्ण संबंध रहे हैं और दोनों देशों के साझा सांस्‍कृतिक मूल्‍य हैं। पहला नौसेना अभ्‍यास 1993 में संचालित किया गया था। यह वर्ष भारत और ओमान के द्विपक्षीय नौसेना अभ्‍यासों का 30वां वर्ष है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 November 2022

जम्मू-कश्मीर में परिसीमन के बाद बढ़े मतदाता

'परिसीमन के बाद मतदाताओं की संख्या में 10 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि    जम्‍मू-कश्‍मीर में परिसीमन के बाद निर्वाचन आयोग के संक्षिप्‍त पुनरीक्षण अभियान से मतदाताओं की संख्‍या में दस प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई है। आयोग द्वारा जारी अंतिम मतदाता सूची में सात लाख 72 हज़ार 872 मतदाताओं के नाम जोड़े गए हैं। इस प्रकार अंतिम सूची में मतदाताओं की संख्‍या 83 लाख 59 हज़ार 771 हो गई है। इनमें से 42 लाख 91 हज़ार 687 मतदाता पुरुष हैं, जबकि महिला मतदाताओं की संख्‍या 40 लाख 67 हज़ार नौ सौ हो गई है। हमारे जम्‍मू संवाददाता के अनुसार इस वर्ष के शुरू में जम्‍मू-कश्‍मीर में परिसीमन का कार्य पूरा होने के बाद निर्वाचन आयोग ने जून के महीने में पुनरीक्षण-पूर्व गतिविधियों के आदेश दिए थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 November 2022

हम लोग

   भारत को लोकतंत्र की जननी बनाया है-प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि संविधान की प्रस्तावना में लिखा गया - 'हम लोग' एक प्रतिबद्धता, संकल्प और विश्वास है जिसने भारत को लोकतंत्र की जननी बनाया है। उन्होंने भारतीय संविधान को खुले, भविष्यवादी और प्रगतिशील विचारों के लिए जाना जाने वाला बताते हुए कहा कि इसकी भावना युवा केंद्रित है। पीएम मोदी ने आज नई दिल्ली में उच्चतम न्यायालय में संविधान दिवस समारोह को संबोधित करते हुए युवाओं से संविधान को बेहतर ढंग से समझने के लिए चर्चाओं में अधिक से अधिक भाग लेने का आग्रह किया। उन्‍होंने कहा कि न्यायपालिका, सबके लिए न्याय को सुगम बनाने की दिशा में ई-पहल सहित कई कदम उठा रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज की वैश्विक स्थिति में सबकी निगाहें भारत पर हैं, तेज विकास के बीच देश अपनी वैश्विक छवि मजबूत कर रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि भारत एक सप्ताह के भीतर जी-20 की अध्यक्षता संभालेगा और यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि लोकतंत्र की जननी के रूप में देश की छवि मजबूत हो। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर 2008 की मुंबई आतंकी हमले की 14वीं बरसी पर जान गंवाने वालों को श्रद्धांजलि भी दी। कार्यक्रम के दौरान, प्रधानमंत्री ने ई-कोर्ट परियोजना के अंतर्गत की गई विभिन्न पहलों की भी शुरुआत की। यह परियोजना सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के माध्यम से वादियों, वकीलों और न्यायपालिका को सेवाएं प्रदान करने का एक प्रयास है। इनमें वर्चुअल जस्टिस क्लॉक, जस्टिस मोबाइल ऐप 2.0, डिजिटल कोर्ट और S3WaaS वेबसाइट्स शामिल हैं। वर्चुअल जस्टिस क्लॉक, अदालतों द्वारा मामलों के निपटान की स्थिति को जनता के साथ साझा करके अदालतों के कामकाज को जवाबदेह और पारदर्शी बनाएगी। जिला अदालत की वेबसाइट पर किसी भी न्‍यायालय की वर्चुअल जस्टिस क्लॉक को देखा जा सकता है।  जस्टिस मोबाइल ऐप 2.0 के माध्यम से अब उच्चतम न्यायालय और उच्च न्यायालय के न्यायाधीश लंबित मामलों और उनके निपटान की निगरानी कर सकते हैं। डिजिटल अदालत न्यायाधीश को डिजिटल रूप में अदालत के रिकॉर्ड उपलब्ध कराने की पहल है। S3WaaS वेबसाइटें, जिला न्यायपालिका से संबंधित निर्दिष्ट जानकारी और सेवाओं को प्रकाशित करने के लिए वेबसाइटों को बनाने, समरूपण करने, परिनियोजन करने और प्रबंधित करने के संबंध में हैं। इस अवसर पर भारत के मुख्य न्यायाधीश डी. वाई. चंद्रचूड़ ने कहा कि भारतीय संविधान की कहानी केवल कानूनी विषयों और व्याख्या की कहानी नहीं है, बल्कि यह मानव संघर्ष तथा बलिदान और समाज के वंचित वर्ग के प्रति अन्याय को खत्म करने की कहानी है। विधि मंत्री किरेन रिजिजू ने कहा कि प्रधानमंत्री ने न्यायिक प्रणाली में जन सामान्‍य का विश्वास बढ़ाने के लिए अदालतों में स्थानीय भाषाओं को प्रोत्साहित करने की आवश्यकता पर प्रकाश डाला है। विधि मंत्री ने बताया कि मंत्रालय के तत्वावधान में बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने भारतीय भाषा समिति का गठन किया है। समिति उन शब्दों और वाक्यांशों को सूचीबद्ध कर रही है जिनका उपयोग कानून की विभिन्‍न शाखाओं में सबसे अधिक किया जाता है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 November 2022

निर्वाचन आयोग ने किया पोस्टल कवर के जरिए मतदान जागरूकता अभियान

आयोग का उद्देश्‍य पहचान पत्रों के माध्‍यम से मतदाता जागरूकता अभियान निर्वाचन आयोग मतदान के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए विभिन्‍न पहलें करता रहा है। इसके तहत आयोग ने डाक विभाग के साथ मिलकर गुजरात के नए मतदाता पहचान पत्रों को आकर्षक डिजाइन में तैयार किया है। इन पहचान पत्रों के वितरण के लिए जो डाक कवर बनाए गए है उनमें मतदान के प्रति प्रोत्साहित करने वाले संदेश ‘मतदाता होने का गौरव, अपना उम्मीदवार सोच-समझकर चुनें, कभी भी पोल मिस न करें, आपकी राय महत्वपूर्ण है, नैतिक मतदान कराएं, जागरूक और जागरूक मतदाता बनें’ आदि संदेश छापे गए हैं। आयोग का उद्देश्‍य पहचान पत्रों के माध्‍यम से मतदाता जागरूकता अभियान भी चलाना है। यह कार्ड एटीएम कार्ड के समान आकर्षक ढंग से डिजाइन किए गए हैं। नया कार्ड मिलने के साथ ही मतदाताओं को मतदान करने का संदेश भी मिल रहा है। इसके अलावा आयोग की वेबसाइट, वोटर हेल्पलाइन नंबर 1950, नाम पंजीकरण सत्यापन के लिए वोटर पोर्टल की जानकारी, वोटर हेल्पलाइन ऐप आदि का विवरण भी छपवाए गए हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 November 2022

रक्षा मंत्री : हिंद-प्रशांत क्षेत्र वैश्विक समुदाय के आर्थिक विकास के लिए महत्‍वपूर्ण

भारत हिन्‍द प्रशांत क्षेत्र के मामले में आसियान की केन्‍द्रीय भूमिका का सम्‍मान करता है रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने सभी देशों का आह्वान किया है कि जलवायु परिवर्तन, कोविड महामारी और व्‍यापक अभाव की चुनौतियों से निपटने में मिलकर काम करें। उन्‍होंने कहा कि सभी देशों को विनाशकारी युद्धों और संघर्षों से विचलित हुए बगैर इन चुनौतियों का मुकाबला करने में सामूहिक कदम उठाने होंगे। आज नई दिल्‍ली में हिन्‍द-प्रशांत क्षेत्रीय वार्ता-2022 को संबोधित करते हुए  सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने मजबूत संदेश दिया है कि युद्ध का दौर खत्‍म हो चुका है । उनका यह संदेश बाली में हुए जी-20 में शामिल विश्‍व नेताओं के बीच जोरदार ढंग से मुखर हुआ है। रक्षामंत्री ने सामूहिक सुरक्षा के मानदंड बढ़ाने पर जोर दिया है। उन्‍होंने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि यदि सुरक्षा सही मायनों में सामूहिक उद्यम बनता है तो लाभकार वैश्विक व्‍यवस्‍था निर्मित की जा सकती है। रक्षामंत्री ने कहा कि हिन्‍द-प्रशांत क्षेत्र वैश्विक समुदाय के आर्थिक विकास के लिए महत्‍वपूर्ण है। उन्‍होंने कहा कि विभिन्‍न देशों से गुजरते सदियों पुराने समुद्री मार्गों ने व्‍यापार बढ़ाने में मदद की है। राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत हिन्‍द प्रशांत क्षेत्र के मामले में आसियान की केन्‍द्रीय भूमिका का सम्‍मान करता है। उन्‍होंने कहा कि बहुपक्षीय नीति के लक्ष्‍य को विभिन्‍न पक्षकारों के साथ वार्ता के जरिये प्राप्‍त किया जा सकता है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 November 2022

PM- देश का इतिहास शौर्य और बलिदान का है

  पीएम ने  नई दिल्‍ली में लाचित बरफुकन की 400वीं जयंती के समापन समारोह को संबोधित किया प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि देश का इतिहास दासता की कथा नहीं बल्कि वीरता, बलिदान और नायकों का इतिहास है। पीएम मोदी ने कहा कि लोगों को स्‍वतंत्रता के बाद गलत ढंग से लिखे गए इतिहास को बदलना चाहिए था, लेकिन दुर्भाग्‍यवश ऐसा नहीं हुआ। उन्‍होंने कहा कि देश अब ब्रिटिश शासन के बाद हुई गलतियों को सुधार रहा है। नई दिल्‍ली में लाचित बरफुकन की 400वीं जयंती समारोह के समापन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि लाचित बरफुकन ने हमें अपने कार्यों से देशभक्ति का पाठ पढ़ाया। उन्‍होंने कहा कि लाचित बरफुकन देश के महान योद्धा थे। पीएम  मोदी ने अहोम राजवंश का उल्‍लेख करते हुए कहा कि लाचित बरफुकन के नेतृत्‍व में अहोम सेना ने मुगलों को पराजित किया और गुवाहाटी को औरंगजेब के कब्‍जे से मुक्‍त कराया। उन्‍होंने कहा कि सराई घाट का युद्ध मातृभूमि के प्रति लाचित बरफुकन  के प्रेम का प्रमाण था। इस अवसर पर केन्‍द्रीय मंत्री सर्बानंद सोनावाल ने लाचित बरफुकन को साहस का प्रतीक बताया। पूर्वोत्‍तर के विकास में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की चर्चा करते हुए सोनोवाल ने कहा कि पीएम मोदी लगातार क्षेत्र के उत्‍थान के लिए कार्य कर रहे हैं। असम के मुख्‍यमंत्री हिमंता बिस्‍व सरमा ने अपने भाषण में कहा कि लाचित बरफुकन की जयंती के सिलसिले में तैयार किये गए ऐप पर 40लाख लोगों ने इस महान योद्धा पर अपने विचार दर्ज किये।  सरमा ने कहा कि सराई घाट का युद्ध देश के इतिहास की महत्‍वपूर्ण घटना है जिसमें लाचित बरफुकन ने मुगलों को पराजित किया और औरंगजेब के विस्‍तार पर रोक लगाई। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि लाचित बरफुकन देश के नायक थे और लोगों को उनकी वीरता और देशभक्ति पर चर्चा के लिए आगे आना चाहिए।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 November 2022

डॉक्टर सीवी आनंद बोस पश्चिम बंगाल के नये राज्यपाल बन गए

  डॉ आनंद बोस ने भारत सरकार के सचिव, मुख्य सचिव और विश्वविद्यालय के कुलपति का पद संभाला है डॉक्टर सीवी आनंद बोस पश्चिम बंगाल के नये राज्यपाल बन गए हैं। कलकत्ता उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति प्रकाश श्रीवास्तव ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, राज्य सरकार के मंत्रियों और विधायकों के अलावा पूर्व राज्यपाल गोपाल कृष्ण गांधी उपस्थित थे। डॉ सीवी आनंद बोस को गुरुवार को पश्चिम बंगाल का राज्यपाल नियुक्त किया गया।  मणिपुर के राज्यपाल ला गणेशन जुलाई से पश्चिम बंगाल का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे हैं।  बंगाल के नए राज्‍यपाल सीवी आनंद बोस मेघालय सरकार के सलाहकार हैं। डॉ आनंद बोस ने भारत सरकार के सचिव, मुख्य सचिव और विश्वविद्यालय के कुलपति का पद संभाला है। वह हैबिटेट एलायंस के अध्यक्ष रहे हैं। सीवी आनंद बोस जवाहरलाल नेहरू फैलोशिप से सम्मानित किए जा चुके हैं। वो मसूरी में लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी के पहले फेलो भी रहे हैं। बोस ने शिक्षा, वन और पर्यावरण, श्रम और सामान्य प्रशासन जैसे अलग-अलग मंत्रालयों में और प्रमुख सचिव और अतिरिक्त मुख्य सचिव के रूप में काम किया है।a

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 November 2022

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने दी चेतावनी

  कोविड महामारी की वजह से  'खसरा' वैश्विक खतरा बना हुआ है विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने विश्‍व के विभिन्‍न भागों में खसरा फैलने की चेतावनी जारी की है। कोविड-19 के दौर में खसरे के टीकाकरण और इसके प्रसार पर निगरानी में कमी के कारण यह खतरा बढ़ा है। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन तथा अमरीका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केन्‍द्र से कल जारी संयुक्‍त रिपोर्ट के अनुसार कोविड महामारी के चलते पिछले साल चार करोड़ से अधिक बच्‍चों को खसरे का टीका नहीं लग पाया। डब्‍ल्‍यू एच ओ में खसरे की रोकथाम से जुड़े प्रमुख अधिकारी पैट्रिक ओ' कॉनर ने कहा कि यह रोकथाम के उपाय करने का समय है। श्री कॉनर ने कहा कि अगले 12 से 24 महीने काफी चुनौतीपूर्ण हैं। उन्‍होंने कहा कि इस वर्ष की शुरूआत से ही खसरे का फैलाव बढ़ा है और वे अफ्रीका के उपसहारा क्षेत्र को लेकर विशेष चिंतित हैं। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के अनुसार 2021 में 22 देशों में खसरे से 90 लाख लोगों के ग्रस्त होने और एक लाख 28 हजार की मौत होने का अनुमान है। टीकाकरण से खसरे की पूरी तरह रोकथाम संभव है। इसका फैलाव रोकने के लिए 95 प्रतिशत आबादी का टीकाकरण जरूरी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 November 2022

सरकार डिजिटल मीडिया विनियमन के लिए सरकार जल्‍द कानून लाएगी

सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने दी जानकारी  सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा है कि डिजिटल मीडिया के विनियमन के लिए सरकार जल्‍द ही एक कानून लाएगी। कल जयपुर में एक समाचार पत्र के रजत जयंती समारोह में ठाकुर ने कहा कि अब डिजिटल मीडिया से जुड़े पत्रकारों को भी मान्‍यता मिलेगी। उन्‍होंने कहा कि पहले समाचार प्रसार एक पक्षीय था लेकिन अब इलेक्‍ट्रॉनिक मीडिया के विकास के साथ यह बहुआयामी हो गया है। अनुराग  ठाकुर ने मीडिया से अपना काम पूरी जिम्‍मेदारी से करने तथा भय और भ्रम का माहौल बनाने से बचने का आग्रह किया। उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र सरकार व्यापार सुगमता तथा दैनिक जीवन को सुविधा संपन्‍न बनाने के लिए प्रयासरत है और कंपनियों की पंजीकरण की प्रक्रिया में बदलाव इसी दिशा में एक कदम है। इस अवसर पर राजस्‍थान के राज्‍यपाल कलराज मिश्रा ने कहा कि मीडिया लोकतंत्र का सबसे बड़ा संदेशवाहक है और पत्रकारिता का उद्देश्‍य संवैधानिक मूल्‍यों और लोकतंत्र में आस्‍था को मजबूत करना है। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने बुधवार को कहा कि केंद्र सरकार डिजिटल मीडिया नियमन के लिए एक विधेयक पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि पहले समाचारों का एकतरफा संचार हुआ करता था, लेकिन इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल मीडिया के विकास से समाचारों का संचार बहुआयामी हो गया है। उन्होंने कहा कि अब गांव की छोटी-छोटी खबरें भी डिजिटल मीडिया के माध्यम से राष्ट्रीय पटल तक आ जाती है। लेकिन वर्तमान में डिजिटल मीडिया अवसरों के साथ-साथ चुनौतियां भी पेश करता है, यह भी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की तरह स्व-नियमित है। उन्होंने कहा कि सरकार ने अधिकांश प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल मीडिया को स्व-नियमन पर छोड़ दिया है। एक अच्छा संतुलन बनाए रखने के लिए सरकार यह देखेगी कि इस पर क्या किया जा सकता है। ठाकुर ने कहा कि इसके नियमन की आवश्यकता है और इसे ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार जल्द ही कानून लाएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 November 2022

हिन्‍द प्रशान्‍त क्षेत्र में स्‍वतंत्र, मुक्‍त और समावेशी व्‍यवस्‍था की आवश्‍यकता पर बल दिया

  भारत ने स्‍वतंत्र, मुक्‍त और समावेशी व्‍यवस्‍था की आवश्‍यकता पर बल दिया भारत ने हिन्‍द प्रशान्‍त क्षेत्र में ऐसी स्‍वतंत्र, मुक्‍त और समावेशी व्‍यवस्‍था की आवश्‍यकता पर बल दिया है, जिसमें सभी देशों की सम्‍प्रभुता और प्रादेशिक अखण्‍डता का सम्‍मान हो। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कम्‍बोडिया के सिएन रीप में आसियान रक्षा मंत्रियों की नौंवीं बैठक को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि भारत ऐसी जटिल कार्रवाइयों और घटनाओं के प्रति चिन्तित है, जिनसे क्षेत्र में शांति और स्थिरता पर असर पडता है। हमारे संवाददाता ने खबर दी है कि श्री राजनाथ सिंह ने बताया कि भारत क्षेत्र में स्‍वतंत्र नौवहन और विमानों के आवागमन का पक्षधर है। उन्‍होंने कहा कि भारत समुद्री विवादों के शांतिपूर्ण समाधान और अंतर्राष्‍ट्रीय कानून के अनुपालन में विश्‍वास रखता है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 November 2022

मालदीव के विदेश मंत्री का भारत को धन्यवाद्

मालदीव के लोक सेवकों के कौशल और क्षमता बढ़ाने में सहयोग के लिए किया धन्यवाद  मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने मालदीव के लोक सेवकों के कौशल और क्षमता बढ़ाने में सहयोग के लिए भारत को धन्यवाद दिया है।  शाहिद ने नेशनल सेंटर फॉर गुड गवर्नेंस-NCGG के महानिदेशक भरत लाल के साथ हुई बैठक में भारत के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने आशा व्यक्त की कि क्षमता वर्धन कार्यक्रम से दोनों देशों के लोगों के बीच आपसी संपर्क और मज़बूत होगा । 2019 में प्रधानमंत्री मोदी की यात्रा के दौरान मालदीव के लोक सेवा आयोग के साथ हुए सहयोग समझौते की समीक्षा के लिए भरत लाल के नेतृत्व में NCGG का प्रतिनिधिमंडल मालदीव में है। भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने इस दौरान मालदीव के शिक्षा मंत्री इब्राहिम हसन, सूचना आयुक्त कार्यालय और भ्रष्टाचार निरोधक आयोग के साथ विचार-विमर्श किया। द्विपक्षीय समझौते के अंतर्गत मालदीव के 530 सिविल अधिकारी अब तक भारत में प्रशिक्षण ले चुके हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 November 2022

कर्नाटक , महाराष्ट्र के बीच विवाद को न बढाने का आह्वान

  जठ तालुका की सभी ग्राम पंचायतों ने सर्वसम्मति से कर्नाटक में विलय का प्रस्ताव पारित किया कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से दोनों राज्यों के बीच विवाद को न बढाने का आह्वान किया है। सीएम बोम्‍मई आज बेंगलुरु में महाराष्ट्र और कर्नाटक के बीच सीमा विवाद पर उच्चतम न्यायालय में कल होने वाली सुनवाई के बारे में पत्रकारों को जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में बड़ी संख्या में बसे कन्नड़ लोगों के हितों का कर्नाटक सरकार ध्यान रख रही है। सीमा विकास प्राधिकरण महाराष्ट्र में कन्नड़ स्कूलों के विकास के लिए विशेष अनुदान जारी करेगा। कर्नाटक राज्य के एकीकरण के लिए लड़ने वाले और महाराष्ट्र और गोवा में बसे लोगों को मासिक पेंशन दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि गंभीर पेयजल संकट का सामना कर रहे महाराष्ट्र के जठ तालुका की सभी ग्राम पंचायतों ने सर्वसम्मति से कर्नाटक में विलय का प्रस्ताव पारित किया है और राज्य सरकार इस पर गंभीरता से विचार कर रही है। सीएम बोम्मई ने कहा कि राज्य यह तर्क देगा कि शीर्ष अदालत को महाराष्ट्र राज्य की याचिका पर विचार नहीं करना चाहिए। याचिका में मराठी भाषी जनसंख्‍या के आधार पर कर्नाटक के कुछ हिस्सों पर दावा किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा था कि संविधान के कॉलम 3 के अनुसार गठित राज्यों के पुनर्गठन अधिनियम की समीक्षा का कोई उदाहरण नहीं हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 November 2022

ऑस्‍ट्रेलिया की संसद ने भारत के साथ मुक्‍त व्‍यापार समझौते को मंजूरी दी

 प्रधानमंत्री मोदी  - इससे व्यापक रणनीतिक साझेदारी और सुदृढ होगी ऑस्‍ट्रेलियाई संसद ने भारत तथा ऑस्‍ट्रेलिया के बीच मुक्‍त व्‍यापार समझौते को स्‍वीकृति दे दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस समझौते को स्‍वीकृति देने पर ऑस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथनी एल्‍बनीज को धन्‍यवाद दिया है। पीएम  मोदी ने कल अपने संदेश में कहा कि भारत-ऑस्‍ट्रेलिया आर्थिक सहयोग और व्‍यापार समझौते की स्‍वीकृति का भारत तथा ऑस्‍ट्रेलिया के व्‍यापारिक समुदाय स्‍वागत करेंगे। उन्‍होंने कहा कि यह समझौता भारत-ऑस्‍ट्रेलिया की व्‍यापक रणनीतिक साझेदारी को और सुदृढ़ बनाएगा। वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने ऑस्‍ट्रेलिया-भारत आर्थिक सहयोग और व्‍यापार समझौते को दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों के लिए एक महत्‍वपूर्ण क्षण कहा। नई दिल्‍ली में मीडिया को जानकारी देते हुए गोयल ने कहा कि यह कदम विश्‍व में भारत की बढ़ती शाख की स्वीकृति है। उन्‍होंने कहा कि भारतीय प्रौद्योगिकी उद्योग, विद्यार्थी और बहुत से श्रम आधारित क्षेत्र इस ऐतिहासिक समझौते से लाभान्वित होंगे। उन्‍होंने ऑस्‍ट्रेलिया के साथ राजनीतिक स्तर पर द्विपक्षीय संबंध बनाए रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की। उन्‍होंने कहा कि व्‍यापार तथा दोनों देशों के लोगों के लिए हितकारी इस समझौते के वार्ताकारों के लिए प्रधानमंत्री का दिशा-निर्देश फलदायी रहा है।  गोयल ने कहा कि यह समझौता भारतीय व्‍यापार के सभी क्षेत्रों में नए अवसर पैदा करेगा। उन्‍होंने कहा कि भारत का कपड़ा और रत्‍न तथा आभूषण क्षेत्र ऑस्‍ट्रेलिया के उच्‍च आय वाले लोगों तक पहुंच बनाने के लिए इस समझौते का बेसब्री से इंतजार कर रहा था। भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ-फिक्की ने कहा कि इस समझौते से खनन और खनिज, औषधि, स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा, स्वच्छ ऊर्जा, परिवहन, रत्न और आभूषण, पर्यटन और वस्त्र जैसे विभिन्न क्षेत्रों में अवसर खुलेंगे जिससे भारत में लगभग दस लाख नौकरियां सृजित होंगी। वाणिज्य एवं उद्योग मंडल-एसोचैम ने कहा कि भारत-ऑस्ट्रेलिया मुक्त व्यापार समझौता निर्यातकों को व्यापक अवसर प्रदान करेगा। भारतीय निर्यात संगठनों के महासंघ-FIEO ने कहा कि माल के निर्यात और सेवाओं के लिए आर्थिक सहयोग और व्‍यापार समझौते से कई अवसर खुलेंगे। भारतीय उद्योग संघ-CII ने भी भारत-ऑस्ट्रेलिया मुक्त व्यापार समझौते का स्वागत किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 November 2022

मतदान जागरूकता बढ़ाने के लिए चलाए जा रहे विशेष अभियान

  राज्‍य और जिला स्‍तर पर विभिन्‍न कार्यक्रमों का आयोजन AIRनिर्वाचन आयोग मतदान के प्रति जागरूकता फैलाने और अधिक से अधिक मतदान सुनिश्चित करवाने के लिए विशेष अभियान चला रहा है। इसके अंतर्गत राज्‍य और जिला स्‍तर पर विभिन्‍न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। गुजरात विधानसभा चुनाव में मत प्रतिशत बढ़ाने को लेकर राज्‍य चुनाव कार्यालय की ओर से कई पहल की शुरुआत की गई हैं। इसके तहत बनासकांठा जिला चुनाव कार्यालय की ओर से शपथ, हस्ताक्षर अभियान सहित विभिन्‍न जागरुकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। इस दौरान विभिन्‍न कॉलेजों में छात्रों को मतदान के लिए शपथ दिलाई जा रही और उन्‍हें मतदान का महत्व समझाकर संकल्प पत्र भी भरवाए जा रहे हैं। छात्रों द्वारा अभिभावकों से भी मतदान करने के लिए संकल्प पत्र भरवाए जा रहे हैं। बनासकांठा जिले के चुनाव अधिकारी आनंद पटेल के नेतृत्‍व में जिला विकास अधिकारी स्वप्निल खरे के नेतृत्व में सरकारी कार्यालयों के कर्मचारियों को मतदान की शपथ दिलाई गई। ब्लॉक स्तर के अधिकारियों ने क्षेत्र के दिव्यांग व बुजुर्ग मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक किया। रैलियों और नाटकों का भी आयोजन किया जा रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 November 2022

रक्षा मंत्री ने कंबोडिया के सिएम रीप में भारत-आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक की अध्यक्षता की

यह वर्ष आसियान-भारत मैत्री वर्ष के रूप में मनाया जा रहा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कंबोडिया के सिएम रीप में भारत-आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक की अध्यक्षता की। भारत-आसियान संबंधों की तीसवीं वर्षगांठ मनाने के लिए आज यह बैठक आयोजित की गई। यह वर्ष आसियान-भारत मैत्री वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। राजनाथ  सिंह ने कहा कि भारत की आसियान के साथ ऐतिहासिक, मजबूत और व्यापक रणनीतिक साझेदारी है। उन्होंने कहा कि भारत आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक और पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन जैसे बहुपक्षीय मंचों को बहुत महत्व देता है। उन्‍होंने कहा कि भारत अपनी क्षमताओं और अनुभवों को साझा करते हुए आसियान के साथ रक्षा संबंधों को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 November 2022

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का युवाओं को आश्‍वासन

  सरकार नौकरियां उपलब्‍ध कराने के लिए मिशन मोड में काम कर रही है प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से 71 हजार से अधिक नव नियुक्त कर्मियों को नियुक्ति पत्र सौंपे। नियुक्ति पत्रों की मूल प्रति देश के 45 स्थानों पर वितरित की गई। प्रधानमंत्री मोदी ने कर्मयोगी प्रारम्भ मॉडयूल का भी शुभारंभ किया। यह मॉडयूल विभिन्न सरकारी विभागों में नवनियुक्त कर्मियों के लिए ऑनलाइन अनुकूलन पाठ्यक्रम है। इसमें सरकारी सेवकों के लिए आचार संहिता, कार्यस्थल नियम, सत्यनिष्ठा और मानव संसाधन संबंधी नीतियां शामिल हैं। नये कर्मचारियों को अपना ज्ञान, कौशल और सक्षमता बढ़ाने के लिए igot karmayogi.gov.in प्लेटफॉर्म पर अन्य कोर्स करने का भी अवसर मिलेगा। इस अवसर पर मोदी ने कहा कि सरकार नौकरियां उपलब्‍ध कराने के लिए मिशन मोड में काम रही है। उन्‍होंने कहा कि विभिन्‍न राज्‍यों में कई रोजगार मेले आयोजित किए जा रहे हैं और यह अभियान भविष्‍य में भी जारी रहेगा। युवाओं को देश की सबसे बडी शक्ति बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार युवाओं की प्रतिभा और ऊर्जा का उपयोग करने को शीर्ष प्राथमिकता दे रही है। उन्‍होंने नव-नियुक्‍त कर्मियों से दक्षता बढाने के लिए ज्ञान अर्जित करने, कौशल विकास और क्षमता निर्माण पर ध्‍यान देने का आग्रह किया। उन्‍होंने कहा कि कर्मयोगी भारत मंच पर कई कोर्स उपलब्‍ध होंगे जिनसे नव- नियुक्‍त कर्मियों की प्रगति में सहायता मिलेगी।   आगामी दशकों में देश को विकसित बनाने के भारत के प्रयासों के बारे में पीएम  मोदी ने कहा कि दुनियाभर के विशेषज्ञ भारत के प्रगति पथ के बारे में आशावान हैं। उन्‍होंने कहा कि देश में विश्‍व का विनिर्माण केंद्र बनने की क्षमता है।पीएम  मोदी ने इस बात पर बल दिया कि कुशल श्रम शक्ति इस दिशा में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाएगी। उन्‍होंने कहा कि सरकार के प्रयासों के कारण सरकारी और निजी क्षेत्र में नये रोजगार के अवसर निरंतर बढ रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि उत्‍पादन से जुडी प्रोत्‍साहन योजना, मेक इन इंडिया, लोकल फोर ग्‍लोबल, ड्रोन और अंतरिक्ष क्षेत्रों में युवाओं को अनेक नये रोजगार देने के अवसर उत्‍पन्‍न करने की क्षमता है। इस अवसर पर कार्मिक, जन-शिकायत, पेंशन तथा प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्‍यमंत्री डॉ० जितेंद्र सिंह ने कहा कि सरकार समाज के उन वर्गों को प्राथमिकता दे रही है जिनकी अनदेखी पिछली सरकारें करती रहीं। उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 10 लाख लोगों को नौकरी देने के लिए प्रतिबद्ध हैं। पिछले महीने रोजगार मेले में केंद्र सरकार के विभिन्‍न पदों के लिए 75 हजार लोगों को नियुक्ति पत्र सौंपे गए थे। आज केंद्रीय सशस्‍त्र पुलिस बल, कान्‍सटेबल, आय कर निरीक्षकों, शिक्षकों, लेक्‍चरर, नर्स, नर्सिंग अधिकारी, डॉक्‍टर, फार्मासिस्‍ट, रेडियोग्राफर और अन्‍य तकनीकी तथा पैरामेडिकल पदों के लिए नियुक्ति पत्र सौंपे गए।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 November 2022

संयुक्त राष्ट्र -यूक्रेन के जेपोरेश्यिा परमाणु ऊर्जा संयंत्र पर हमला व्यथित करने वाला

मिस्र के शर्म-अल शेख में संयुक्‍त राष्‍ट्र जलवायु सम्‍मेलन विशेष क्षतिपूर्ति कोष बनाने पर सहमत   संयुक्‍त राष्‍ट्र की परमाणु निगरानी एजेन्‍सी के प्रमुख ने चेतावनी दी है कि युक्रेन के जपोर्षजि़या परमाणु संयंत्र पर हमला करने वाला आग से खेल रहा है। अन्‍तर्राष्‍ट्रीय परमाणु उर्जा एजेन्‍सी ने रविवार को कहा कि इस परमाणु संयंत्र पर कई हमले किये गये। एजेन्‍सी के प्रमुख राफेल ग्रोसी ने कहा कि ये हमले अत्‍यधिक व्‍यथित करने वाले और पूरी तरह अस्‍वीकार्य हैं। उन्‍होंने कहा कि जिसने भी यह हमले किये हैं उसे इस तरह की गतिविधियां तुरन्‍त रोकनी चाहिए। परमाणु संयंत्र के प्रबंधन से मिली सूचना का हवाला देते हुए ग्रोसी ने कहा कि संयंत्र की इमारत, प्रणाली और उपकरणों को क्षति पहुंची है। लेकिन परमाणु सुरक्षा के लिए इससे कोई खतरा उत्‍पन्‍न नहीं हुआ। जपोर्षजिया दक्षिण पूर्व युक्रेन में है जो यूरोप का सबसे बड़ा परमाणु संयंत्र है। इस संयंत्र पर अक्‍सर हमले होते रहे हैं जिससे परमाणु आपदा की शंका बढ़ती है। इस बीच रूस और युक्रेन ने इन हमलों के लिए एक दूसरे को जिम्‍मेदार ठहराया है।   मिस्र के शर्म-अल शेख में संयुक्‍त राष्‍ट्र जलवायु सम्‍मेलन विशेष क्षतिपूर्ति कोष बनाने पर सहमत संयुक्‍त राष्‍ट्र के 27वें जलवायु परिवर्तन सम्‍मेलन में विशेष क्षतिपूर्ति कोष बनाने पर सहमति हो गई है। इस कोष से विकासशील देशों को जलवायु परिवर्तन से हुए नुकसान की भरपाई करने में सहायता मिलेगी। सीओपी-27 ने एक ट्वीट संदेश में इस समझौते की पुष्टि करते हुए कहा कि आज मिस्र के शर्म-अल-शेख में इतिहास रचा गया और विशेष क्षति पूर्ति कोष बनाया गया। लंबे समय से इस कोष को बनाने की मांग की जा रही थी। कई दिनों तक चले विचार-विमर्श के बाद इस कोष को बनाने के लिए सीओपी-27 के प्रतिनिधियों की सराहना हुई है। वार्ताकारों और गैर-सरकारी संगठनों का कहना है कि इस कोष का गठन महत्‍वपूर्ण उपलब्धि है। कान्‍फ्रेंस ऑफ पार्टीज-सीओपी 27 वें सत्र का आज मिस्र के शर्म अल-शेख में समापन हो गया। इस सम्‍मेलन का आयोजन सामूहिक जलवायु लक्ष्यों और भविष्‍य की महत्वाकांक्षा का मार्ग प्रशस्त करने के उद्देश्‍य से किया गया। पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने समापन सत्र में इस सम्‍मेलन को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि इस दौरान क्षति फंडिंग व्यवस्था के लिए समझौता किया गया। उन्होंने जलवायु परिवर्तन, जीवन शैली, खपत और उत्पादन की टिकाऊ व्‍यवस्‍था की दिशा में किये गये प्रयासों का स्वागत किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 November 2022

अरूण गोयल ने नए निर्वाचन आयुक्‍त के रूप में पदभार संभाला

  भारतीय प्रशासनिक सेवा से सेवानिवृत अधिकारी है अरूण गोयल   भारतीय प्रशासनिक सेवा से सेवानिवृत अधिकारी अरूण गोयल ने नए निर्वाचन आयुक्‍त के रूप में पदभार संभाल लिया है। राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने उनकी नियुक्ति को मंजूदी दी। निर्वाचन आयोग में राजीव कुमार के मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त का पदभार संभालने के बाद इस वर्ष मई से तीसरा निर्वाचन आयुक्‍त का पद खाली था। भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) के पूर्व अधिकारी अरुण गोयल ने सोमवार को चुनाव आयुक्त का पदभार संभाल लिया। निर्वाचन आयोग (EC) ने यह जानकारी दी। गोयल 1985 बैच के पंजाब कैडर के IAS अधिकारी हैं। उन्होंने 18 नवंबर को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली थी। हालांकि, उन्हें 60 साल का होने के बाद 31 दिसंबर 2022 को सेवानिवृत्त होना था। गोयल को शनिवार को चुनाव आयुक्त नियुक्त किया गया था। वह मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार और चुनाव आयुक्त अनूप चंद्र पांडेय के साथ निर्वाचन आयोग का हिस्सा होंगे। मई 2022 में मुख्य चुनाव आयुक्त (CEC) के रूप में सुशील चंद्रा की सेवानिवृत्ति के बाद निर्वाचन आयोग में एक पद खाली था। गोयल इससे पहले भारी उद्योग सचिव के पद पर तैनात थे। उन्होंने संस्कृति मंत्रालय में भी सेवाएं दी हैं। उनकी नियुक्ति ऐसे समय में की गई है, जब गुजरात में एक और पांच दिसंबर को दो चरणों में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 November 2022

75 क्रिएटिव माइंड्स ऑफ टुमॉरो

  गोवा में 53वें भारतीय अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म समारोह में हुआ उद्घाटन    केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने गोवा में 53वें भारतीय अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म समारोह में '75 क्रिएटिव माइंड्स ऑफ टुमॉरो' खंड का उद्घाटन किया। इस पहल का उद्देश्य फिल्म निर्माण के विभिन्न पहलुओं से, युवा रचनात्मक प्रतिभाओं की पहचान करना, उन्हें प्रोत्साहित करना और उनका पोषण करना है। 75 रचनात्मक प्रतिभाओं को एक प्रतिष्ठित जूरी द्वारा उनकी प्रस्‍तुति के आधार पर चुना गया है।मंत्री अनुराग ठाकुर ने देश भर से चुने गईं इन युवा फिल्म प्रतिभाओं को बधाई दी। उन्होंने कहा कि यह मंच, नवोदित फिल्म निर्माताओं के पोषण और नेटवर्किंग में मदद करेगा। उन्‍होंने कहा कि फिल्म उद्योग हमारे देश के लिए सॉफ्ट पावर के रूप में रचनात्मक अर्थव्यवस्था भी है। अनुराग ठाकुर ने समारोह में महिलाओं की भागीदारी का जिक्र करते हुए कहा कि समारोह में दिखाई जाने वाली 40 प्रतिशत से अधिक फिल्में महिलाओं की हैं और 75 रचनात्मक प्रतिभाओं में 11 महिलाएं शामिल हैं। अनुराग ठाकुर ने दोहराया कि युवाओं को मौका देने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिकल्‍पना को समारोह में प्रभावी रूप से लागू किया जा रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 November 2022

दिल्ली नगर निगम चुनाव के लिए एक हजार तीन सौ 49 उम्मीदवार मैदान में

  मतगणना के लिए 42 केंद्रों पर तैयारियां पूरी   दिल्ली नगर निगम चुनाव के लिए कुल एक हजार तीन सौ 49 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। कल नाम वापसी का आखिरी दिन था और 67 प्रत्याशियों ने अपने नाम वापस लिए। दिल्ली नगर निगम के 250 वार्डों में चार दिसंबर को वोट डाले जाएंगे, मतों की गिनती सात दिसंबर को होगी। इस बीच, दिल्ली राज्य चुनाव आयोग ने मतगणना के लिए 42 केंद्रों पर तैयारियां पूरी कर ली हैं। चिन्हित केंद्रों पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों के उपयोग के लिए प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 November 2022

फ़ुटबॉल का सबसे बड़ा आयोजन, फीफा विश्व कप आज शाम कतर के दोहा में

दोहा में फीफा विश्‍व कप फुटबॉल प्रतियोगिता की आज शानदार शुरूआत होगी  कतर की राजधानी दोहा में आज फीफा विश्‍व कप फुटबॉल प्रतियोगिता की आज शानदार शुरूआत होने जा रही है। पांच महाद्वीपों के शीर्ष 32 देश इसमें भाग ले रहे हैं। अल-खोर के अल-बायत स्टेडियम में उद्घाटन समारोह भारतीय समयानुसार शाम साढ़े सात बजे होगा। कतर के आठ स्‍टेडियमों में कुल 64 मैच खेले जाएंगे। दक्षिण कोरिया का ब्वाय बैंड बी.टी.एस. जंगकूक "ड्रीमर्स", ब्लैक आइड पीस, रोबी विलियम्स और नोरा फतेही उद्घाटन समारोह में अपनी प्रस्‍तुतियां देंगे।भारतीय समय के अनुसार रात साढ़े 9 बजे शुरूआती मैच में मेजबान कतर का मुकाबला इक्‍वाडोर से होगा। फीफा विश्व कप का महत्व इस बार इसलिए बढ़ जाता है क्योंकि पहली बार इसका आयोजन एक पश्चिम एशियाई देश में किया जा रहा है और यह सर्दियों में आयोजित हो रहा है। इसके पहले फीफा विश्व कप जून-जुलाई में खेले जाते थे। हमारे संवाददाता के अनुसार यह विश्व कप इसलिए भी अलग होगा क्योंकि लियोनल मैसी, क्रिस्टियानो रोनाल्डो और नेमार जैसे दिग्गज फुटबाल खिलाड़ियों का यह अन्तिम विश्व कप हो सकता है। उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ फीफा विश्व कप 2022 के उद्घाटन में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए आज से कतर की दो दिन की यात्रा पर होंगे। विदेश मंत्रालय ने बताया है कि भारत और कतर के बीच व्यापार, सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा और अन्य क्षेत्रों में बहु-आयामी साझेदारी के साथ घनिष्ठ और मैत्रीपूर्ण संबंध हैं। पिछले वित्त वर्ष में, दोनों देशों के बीच 15 अरब अमरीकी डॉलर से अधिक का द्विपक्षीय व्यापार हुआ था। अपनी यात्रा के दौरान, उपराष्ट्रपति भारतीय समुदाय के सदस्यों से भी मिलेंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 29 अक्तूबर को कतर के अमीर शेख तमीम बिन-हमद अल-थानी से बातचीत की थी और 20 नवंबर से 18 दिसंबर तक खेले जाने वाले फीफा विश्व कप 2022 के सफल आयोजन के लिए शुभकामनाएं दी थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 November 2022

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वेरावल और धोराजी में रैलियों को संबोधित किया

गुजरात में विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए प्रचार तेज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश के आगामी 25 वर्ष के सुनहरा भविष्य तय करने के लिए डबल इंजन की सरकार जरूरी है। पीएम  मोदी आज वेरावल में एक चुनाव रैली को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार नागरिकों, किसानों, युवाओं, महिलाओं और मछुआरों को सशक्त बनाने के नई नीतियां लाई हैं। प्रधानमंत्री ने मुफ्त घरेलू रसोई गैस कनेक्शन, घर घर नल से जल और आयुष्मान भारत जैसी सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का उल्लेख किया।पीएम  मोदी ने कहा कि भाजपा ने सदैव देश और आम लोगों के विकास के लिए काम किया है। राजकोट जिले के धोराजी में एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि गुजरात आज सभी क्षेत्रों में फल-फूल रहा है और समय आ गया है कि आने वाले 25 वर्षों में राज्‍य को समृद्ध बनाने के लिए आगे बढ़ा जाए। पीएम मोदी ने कहा कि दो दशक पहले सौराष्‍ट्र क्षेत्र में पानी का गंभीर संकट होता था, लेकिन भाजपा सरकार के लगातार प्रयासों से नर्मदा नदी का पानी सौराष्‍ट्र पहुंचा, जिससे इस क्षेत्र में पानी की कमी दूर हुई। प्रधानमंत्री ने सौराष्‍ट्र की समृद्धि में सुजलम सुफलम योजना की भूमिका को उजागर किया। उन्‍होंने कहा कि बिजली, पानी, शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य और बुनियादी ढांचा उपलब्‍ध कराकर भाजपा सरकार ने क्षेत्र का विकास सुनिश्चित किया है। प्रधानमंत्री ने विकास को चुनने और आगामी 25 वर्षों में राज्‍य को विकास की नई ऊंचाईयों तक ले जाने के लिए लोगों से भाजपा को वोट देने को कहा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 November 2022

 प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी तीन दिन के गुजरात दौरे पर

गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान तेज  गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान तेज हो गया है। सभी दलों के दिग्‍गज नेता चुनाव प्रचार में जुटे हैं। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्‍ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज तीन के गुजरात  दौरे पर जा रहे हैं। वे  शाम को बलसाड में एक जनसभा को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी का आठ सार्वजनिक सभाओं को  संबोधित करने का कार्यक्रम हैं। राज्‍य में पहले चरण के चुनाव के लिए सात सौ 88 उम्‍मीदवार हैं। इस चरण में सौराष्‍ट्र, कच्‍छ और दक्षिण गुजरात के 19 जिलों में पहली दिसम्‍बर को वोट डाले जाएंगे। पीएम मोदी आज गुजरात पहुंचेंगे और अपने तीन दिन के दौरे में आठ जनसभाओं को संबोधित करेंगे। गुजरात चुनावों की घोषणा होने के बाद पीएम मोदी ने वलसाड में पहली चुनावी सभा की थी, इस सभा में पीएम मोदी ने पार्टी की चुनौती कैंपेन को नई टैगलाइन दी थी और कहा था कि 'यह गुजरात हमने बनाया है'। पहले चरण के लिए नामांकन प्रक्रिया खत्म होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब तीन दिन के दौरे पर गुजरात पहुंचेंगे और पार्टी के प्रचार को गति देंगे। पीएम मोदी 20 नवंबर को सोमनाथ पहुंचेंगे और मंदिर में दर्शन के बाद वे चुनावी कार्यक्रमों पर निकलेंगे। पीएम मोदी 20 नवंबर को सौराष्ट्र के वेरावल, धोराजी, अमरेली और बोटाद में सभाओं को संबोधित करेंगे। इसके बाद अगले दिन 21 नवंबर को पीएम मोदी सुरेंद्र नगर में जनसभा को संबोधित करेंगे। 21 नंवबर को ही प्रधानमंत्री नवसारी और जंबुसर में जनसभाओं को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी के वापी में रोड शो का कार्यक्रम भी रखा गया है।  नरेंद्र मोदी के आज गुजरात पहुंचने का कार्यक्रम है। वे 20 नवंबर को सोमनाथ मंदिर में जाकर दर्शन करेंगे और फिर चुनावी कार्यक्रमों पर निकलेंगे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 November 2022

संयुक्त राष्ट्र महासचिव-यह समय आलोचना का नहीं, बल्कि बदलाव लाने और परिणाम देने का है

  एफबीआई - चीन द्वारा चलाये जा रहे अनाधिकृ‍त पुलिस स्‍टेशनों के संचालन की जांच की जा रही   संयुक्त राष्ट्र महासचिव अंटोनिओ गुतरश ने सभी पक्षों से समय की आवश्‍यकता को समझने और मानवता के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती से निपटने के लिए वास्तविक समाधानों पर सहमत होने का आग्रह किया है। सीओपी27 के अंतिम दिन गुतरश ने कहा कि यह समय एक-दूसरे की आलोचना का नहीं, बल्कि बदलाव लाने, साथ आने और परिणाम देने का है। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने सभी राष्‍ट्रों से सार्थक कार्रवाई करने का आह्वान किया। एंटोनी  गुतरश ने कोपेनहेगन में सीओपी15 में निर्धारित किए गए जलवायु वित्त में सालाना 100 अरब अमरीकी डॉलर के वितरण का आग्रह किया।    एफबीआई - चीन द्वारा चलाये जा रहे अनाधिकृ‍त पुलिस स्‍टेशनों के संचालन की जांच की जा रही   अमरीका में फेडरल ब्‍यूरो ऑफ इन्‍वेस्टिगेशन-एफबीआई के निदेशक क्रिस्‍टोफर रे ने कहा है कि चीन द्वारा चलाये जा रहे अनाधिकृ‍त पुलिस स्‍टेशनों के संचालन की जांच की जा रही है। अमरीका इस खबर से चिन्तित है कि चीन अमरीका के प्रमुख शहरों में अनाधिकृत प‍ुलिस स्‍टेशन स्‍थापित कर रहा है। निदेशक ने कहा कि यह संप्रभुता का उल्‍लंघन और गैरकानूनी है। उन्‍होंने कहा कि चीन अपने नागरिकों को स्‍वदेश वापस लाकर उन पर आपराधिक मुकदमें चलाने के लिए इस तरह के पुलिस स्‍टेशन संचालित कर कर रहा है। इससे पहले, सितम्‍बर में भी यूरोप स्थित मानवाधिकार संगठन ने एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी, जिसके अनुसार न्‍यूयॉर्क सहित विश्‍व के प्रमुख शहरों में चीनी पुलिस सेवा केन्‍द्र स्‍थापित किये जा रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 November 2022

पीएम मोदी ने अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर में डोनी पोलो हवाई अड्डे का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह देश का पहला ग्रीन‍फील्‍ड हवाई अड्डा  प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि विकास परियोजनाओं में अब देरी नहीं होती और किसी प्रकार की रूकावट नहीं आने दी जाती। उन्‍होंने कहा कि सरकार ने परियोजनाओं के शिलान्‍यास और उनके उद्घाटन की नई कार्य संस्‍कृति  शुरू की है। पीएम  मोदी ने आज अरुणाचल प्रदेश के ईटानगर में डोनी पोलो हवाई अड्डे का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्‍होंने कहा कि सरकार ने सभी विकास परियोजनाओं को समय पर पूरा करना सुनिश्चित किया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि परियोजनाओं में देरी करना और किसी प्रकार की बाधा उत्‍पन्‍न होने देना इस सरकार की कार्य संस्‍कृति में नहीं आता। प्रधानमंत्री ने कहा कि सवेरे के समय इतनी बड़ी संख्‍या में पूरे उत्‍साह के साथ लोगों का इस कार्यक्रम में शामिल होना, सरकार की नीतियों के समय पर और सुचारू रूप से  कार्यान्‍वयन का परिणाम है। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह देश का पहला ग्रीन‍फील्‍ड हवाई अड्डा है। यहां सभी मौसम में सुचारू संचालन के लिए आधुनिक सुविधाएं उपलब्‍ध कराई गई हैं। हवाई अड्डे का नाम डोनी पोलो यानी सूर्य और चन्‍द्रमा पर रखा गया है। पीएम मोदी ने कहा कि पूर्वात्‍तर क्षेत्र के दूरदराज के इलाकों तक भी बिजली पहुंचा दी गई है। उन्‍होंने कहा कि इस क्षेत्र के निवासियों को इलाज के लिए आयुष्‍मान भारत प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के अंतर्गत पांच लाख रुपये तक की सहायता उपलब्‍ध कराई जा रही है। पीएम मोदी ने कहा कि बांस पूर्वोत्‍तर में जीविका का एक महत्‍वपूर्ण साधन है,  औपनिवेशिक शासन के दौरान इस पर रोक लगा दी गई थी लेकिन अब ऐसे कानूनों को बदल दिया गया है। पीएम मोदी ने स्‍पष्‍ट किया कि अब किसान बांस की खेती कर सकते हैं और इसे बाजार में बेच सकते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्वोत्‍तर के 85 प्रतिशत ग्रामीण क्षेत्रों में प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना के अंतर्गत  सडकों का निर्माण किया गया है। उन्‍होंने कहा कि क्षेत्र के किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि योजना का लाभ भी मिल रहा है। पीएम  नरेन्‍द्र मोदी ने इस बात का भी उल्‍लेख किया कि पूर्वोत्‍तर में बुनियादी ढांचे के विकास और सम्‍पर्क में वृद्धि से यहां की पर्यटन अर्थव्‍यवस्‍था को किस प्रकार बढावा मिल रहा है। उन्‍होंने कहा कि आज पूर्वोत्‍तर  नई आशाओं और अवसरों की सुबह देख रहा है और आज का यह आयोजन विकास की दिशा में अग्रसर नये भारत का उदाहरण पेश करता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि डोनी पोलो हवाई अड्डा अरुणाचल प्रदेश का चौथा हवाई अड्डा है। उन्‍होंने कहा कि संस्‍कृति से लेकर कृषि तक और वाणिज्‍य से सम्‍पर्क तक पूर्वोत्‍तर का विकास सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है। पीएम  मोदी ने 600 मेगावाट का कामेंग जल विद्युत केन्‍द्र भी राष्‍ट्र को समर्पित किया। मुख्‍यमंत्री पेमा खांडू ने कहा कि इस हवाई अड्डे से ईटानगर तक सुचारू संपर्क स्‍थापित हो सकेगा। इससे व्‍यापार तथा पर्यटन को बढावा मिलेगा और राज्‍य की अर्थव्‍यवस्‍था पर सकारात्‍मक प्रभाव पडेगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 November 2022

स्‍वतंत्रता सेनानियों की पेंशन दस हज़ार रुपये प्रतिमाह से बढ़ाया गया

महाराष्‍ट्र सरकार ने  बीस हज़ार रुपये प्रतिमाह करने का निर्णय लिया  महाराष्‍ट्र सरकार ने राज्‍य के स्‍वतंत्रता सेनानियों की पेंशन दस हज़ार रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर बीस हज़ार रुपये प्रतिमाह करने का निर्णय किया है। इस फैसले से भारत के स्‍वतंत्रता आंदोलन, मराठवाड़ा मुक्ति संग्राम और गोवा मुक्ति आंदोलन से जुड़े स्‍वतंत्रता सेनानियों को लाभ पहुंचेगा। राज्‍य सरकार को इस निर्णय से 74 करोड़ 75 लाख रुपये अतिरिक्‍त खर्च करने होंगे। राज्‍य मंत्रिमण्‍डल ने इसकी मंजूरी दी।महाराष्ट्र कैबिनेट ने गुरुवार को पेंशन की राशि 10,000 रुपये से बढ़ाकर 20,000 रुपये प्रति माह कर दी है।  इस फैसले को मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की अध्यक्षता में हुई साप्ताहिक कैबिनेट बैठक में मंजूरी दे दी गई है। कैबिनेट ने सामाजिक और शैक्षणिक रूप से पिछले मराठी उम्मीदवारों को ईडब्ल्यूएस कोटा के तहत नौकरियों में आरक्षण देने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है। बता दें कि इडब्ल्यूएस आरक्षण को वैधता को हाल ही में सर्वोच्च न्यायालय ने भी बरकरार रखा है।  मुख्यमंत्री कार्यालय की से जारी एक बयान में कहा गया है कि कैबिनेट ने 9 सितंबर 2020 के बाद शुरू हुई भर्ती प्रक्रिया के लिए इडब्ल्यूएस आरक्षण कोटे को मंजूरी दे दी है। बयान में कहा गया है कि बैठक में सहकारिता विभाग के उस प्रस्ताव को भी हरी झंडी दिखा दी गई है जिसमें मतदाता सूची में नाम हुए बगैर भी किसानों को भी एपीएमसी (एग्रीकल्च प्रोड्यूस मार्केट कमिटी) का चुनाव लड़ने की अनुमति देने की बात ही गई थी।  कैबिनेट ने राज्य में सड़क विकास परियोजनाओं के लिए ऋण के माध्यम से 35,629 करोड़ रुपये जुटाने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 November 2022

इसरो आज आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से पहला प्राइवेट ऱॉकेट छोड़ेगा

  आने वाले दशक में 20,000 से अधिक छोटे उपग्रह अंतरिक्ष में भेजने की योजना भारत का पहला प्राइवेट विक्रम रॉकेट आज पूर्वाह्न सुबह करीब साढ़े 11 बजे श्री हरिकोटा में सतीश धवन अंतरिक्ष केन्‍द्र से प्रक्षेपित किया जाएगा। इसके प्रक्षेपण के लिए सभी प्रबंध पूरे कर लिए गए हैं। मिशन प्रारंभ में तीन पेलोड होंगे -स्पेस किड्ज़ इंडिया, बाज़ूमक अर्मेनिया और एन-स्पेस टेक इंडिया। गति की तीव्रता और दबाव के माप का डेटा हासिल करने के लिए ये एक चरण वाला रॉकेट सेंसर से लैस है। यह मिशन इसरो के इतिहास में एक मील का पत्थर है। एक गैर सरकारी संस्था, स्टार्ट अप स्काईरूट एयरोस्पेस प्राइवेट लिमिटेड ने सिंगल स्टेज विक्रम सबऑर्बिटल रॉकेट विकसित किया था। 550 किलोग्राम वजनी ये रॉकेट 101 किमी की अधिकतम ऊंचाई तक पहुंचेगा।  प्रक्षेपण की 300 सेकंड की अवधि के बाद इसके समुद्र में गिरने की उम्मीद है। इन रॉकेटों को न्यूनतम श्रेणी के बुनियादी ढांचे की जरूरत होती है और इन्‍हें 24 घंटे के भीतर जोड़कर किसी भी लॉन्च साइट से प्रक्षेपित किया जा सकता है। स्काईरूट अपने रॉकेट लॉन्च करने के लिए इसरो के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने वाला पहला स्टार्टअप था। स्काई रूट स्टार्टअप आने वाले दशक में 20,000 से अधिक छोटे उपग्रह अंतरिक्ष में भेजने की योजना बना रहा है। विक्रम श्रृंखला का नामकरण भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान के जनक डॉ. विक्रम साराभाई के नाम पर किया गया है। इस रॉकेट को इस तरह डिजाइन किया गया था कि अभूतपूर्व बड़े पैमाने पर इसका उत्पादन संभव हो और ये किफायती भी रहे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 November 2022

वर्तमान वैश्विक परिस्थितियों के अनुरूप संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार आवश्यक

  श्रेणियों में सदस्य संख्‍या बढ़ाए बिना यह उद्देश्‍य पूरा नहीं होगा   भारत ने कहा है कि वैश्विक परिस्थितियों के अनुरूप संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार आवश्‍यक हैं। संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कांबोज ने सुरक्षा परिषद में समान प्रतिनिधित्व को लेकर जी4 वक्तव्य के दौरान यह बात कही। संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा में  काम्‍बोज ने कहा कि सुरक्षा परिषद में सुधार इसकी वैधता और प्रभावशीलता के लिए एक ऐसी पूर्व शर्त है जो अपरिहार्य है। जी4 देशों - ब्राजील, जर्मनी, जापान और भारत का पक्ष रखते हुए, उन्‍होंने कहा कि ये चारों राष्ट्र सदस्यता की दोनों श्रेणियों में सीटों की वृद्धि और समान क्षेत्रीय प्रतिनिधित्व के साथ-साथ सुरक्षा परिषद के व्यापक सुधार में विश्‍वास रखते हैं। ये चारों देश अधिक पारदर्शी और समावेशी कार्य पद्धति तथा महासभा सहित संयुक्त राष्ट्र के अन्य निकायों के बीच बेहतर संबंधों के भी पक्षधर हैं। भारत की स्थायी प्रतिनिधि ने जोर देकर कहा कि सुरक्षा परिषद को सभी सदस्‍यों की ओर से कार्य करने के उस दायित्व के अनुरूप बनाने का ये सही समय है जिसका उल्‍लेख संयुक्‍त राष्‍ट्र घोषणा पत्र में है। उन्‍होंने कहा कि दोनों श्रेणियों में सदस्य संख्‍या बढ़ाए बिना यह उद्देश्‍य पूरा नहीं होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 November 2022

अगले तीन वर्षों में देश में स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र बढ़कर 50 अरब अमरीकी डॉलर पहुंचने की उम्मीद

दुनिया ने कोविड महामारी के दौरान भारत की अग्रणी भूमिका को पहचाना - मंत्री  जितेंद्र सिंह   विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा है कि देश दुनिया में चिकित्सा पर्यटन के प्रमुख केन्‍द्र के रूप में उभर रहा है। उन्होंने बताया कि 2019 से 2022 की अवधि में 10 लाख से अधिक विदेशियों को मेडिकल वीजा दिया गया। नई दिल्‍ली में  एक कार्यक्रम में डॉक्‍टर जितेन्‍द्र सिंह ने कहा कि अगले तीन वर्षों में देश में स्‍वास्‍थ्‍य सेवा क्षेत्र बढ़कर 50 अरब अमरीकी डॉलर तक पहुंचने की उम्‍मीद है। उन्होंने कहा कि वैश्विक चिकित्सा पर्यटन बाजार लगभग 72 अरब अमरीकी डॉलर तक पहुंचने और अगले वर्ष तक इसमें देश की हिस्सेदारी लगभग 10 अरब डॉलर होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि देश में लगभग छह सौ अस्पताल हैं जो किफ़ायती मूल्‍यों पर विश्व स्तरीय उपचार उपलब्‍ध करा रहे हैं। चिकित्सा क्षेत्र में प्रौद्योगिकी की भूमिका पर डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि दुनिया ने कोविड महामारी के दौरान भारत की अग्रणी भूमिका को पहचाना है, क्योंकि भारत ने कोविड  पोर्टल के माध्‍यम से 220 करोड़ से अधिक टीकाकरण देने की अभूतपूर्व उपलब्धि हासिल की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 November 2022

मीडिया और मनोरंजन उद्योग देश की ताकत : पीयूष गोयल

  मीडिया और मनोरंजन उद्योग में कुछ स्व-नियमन जोड़ने की आवश्यकता   केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि मीडिया और मनोरंजन उद्योग देश की ऐसी ताकत है जिसमें जीवन में बदलाव लाने और रोजगार सृजित करने की क्षमता है। नई दिल्ली में भारतीय उद्योग परिसंघ द्वारा आयोजित बिग पिक्चर समिट 2022 के समापन सत्र को संबोधित करते हुए मंत्री  गोयल ने कहा कि देश के समृद्ध सांस्कृतिक मूल्यों और लोकाचार की रक्षा के लिए मीडिया और मनोरंजन उद्योग को भी  कुछ स्व-नियमन जोड़ने की आवश्यकता है। मंत्री गोयल ने आश्वासन दिया कि सरकार इस उदयोग की हरसंभव मदद करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार ने शत-प्रतिशत विदेशी स्वामित्व की अनुमति देने के लिए प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की सीमा बढ़ा दी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 November 2022

आज से काशी तमिल संगमम वाराणसी में शुरू हुआ

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी इस कार्यक्रम का शनिवार को औपचारिक उद्घाटन करेंगे काशी- तमिल संगमम आज से वाराणसी में शुरू हो गया है। तमिलनाडु से प्रतिनिधियों का पहला दल कल देर रात वाराणसी पहुंचेगा। एक महीने तक चलने वाले इस संगमम का आयोजन केन्‍द्र सरकार आजादी का अमृत महोत्‍सव और एक भारत श्रेष्‍ठ भारत की भावना बनाए रखने के लिए कर रही है। शिक्षा मंत्रालय में भारतीय भाषाओं के संवर्धन के लिए बनी उच्‍च अधिकार प्राप्‍त समिति के अध्‍यक्ष और जानमाने शिक्षाविद प्रोफेसर चामु कृष्‍णा शास्‍त्री ने आकाशवाणी समाचार को बताया कि काशी-तमिल संगमम भाषायी स्‍तर पर दो अलग-अलग क्षेत्र के लोगों को जोड़ेगा। प्रोफेसर कृष्‍णा शास्‍त्री ने बताया कि तमिलनाडु का प्रतिनिधिमंडल काशी विश्‍वनाथ मन्दिर, अयोध्‍या मन्दिर और प्रयागराज का दौरा भी करेगा तथा वाराणसी में प्रसिद्ध गंगा आरती में शामिल होगा। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी इस कार्यक्रम का शनिवार को औपचारिक उद्घाटन करेंगे। काशी- तमिल संगमम का उद्देश्य देश के दो महत्‍वपूर्ण शिक्षण पीठों - तमिलनाडु और काशी के बीच सदियों पुराने सम्‍पर्कों को नये सिरे से स्थापित करना है। इसका उद्देश्‍य शोधार्थियों, विद्यार्थियों, दार्शनिकों, व्‍यापारियों, शिल्‍पकारों और कलाकारों को साथ लाने, ज्ञान, संस्‍कृति और परम्‍पराओं को साझा करने तथा एक-दूसरे के अनुभवों से सीखना भी है। यह आयोजन भारतीय ज्ञान संपदा को ज्ञान की आधुनिक प्रणाली से जोड़ने के राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के उद्देश्यों के अनुरूप है।  काशी आई एक तमिल पर्यटक अर्चना रामचंद्रन ने वाराणसी के विकास के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया और कहा कि काशी तमिल संगमम दोनों संस्कृतियों को एक साथ लाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 November 2022

PM -भगवान बिरसा मुंडा के सपनों को पूरा करने के लिए राष्‍ट्र पंच प्रणों के साथ आगे बढ रहा

  जनजातीय गौरव दिवस पर पीएम मोदी ने वीडियो संदेश के माध्‍यम से देशवासियों को बधाई दी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भगवान बिरसा मुंडा और करोड़ों आदिवासी शूरवीरों के सपनों को साकार करने के लिए देश अमृतकाल के पांच प्रण की ऊर्जा के साथ आगे बढ़ रहा है। इन पांच प्रणों में विकसित भारत का लक्ष्य, औपनिवेशिक मानसिकता को खत्‍म करना, अपनी विरासत पर  गर्व करना, नागरिकों में एकता और कर्तव्यपराणता की भावना शामिल हैं। जनजातीय गौरव दिवस पर पीएम मोदी ने वीडियो संदेश के माध्‍यम से देशवासियों को बधाई दी। भगवान बिरसा मुंडा को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्होंने कहा कि 15 नवंबर आदिवासी परंपरा को मनाने का दिन है क्योंकि भगवान बिरसा मुंडा स्वतंत्रता संग्राम के नायक होने के साथ-साथ आध्यात्मिक और सांस्कृतिक ऊर्जा के वाहक थे। प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता संग्राम में जनजातीय समुदाय के योगदान और प्रमुख जनजातीय आंदोलनों में उनकी भूमिका को स्‍मरण किया। उन्होंने तिलक मांझी के नेतृत्व में दामिन संग्राम, बुधु भगत के लरका आंदोलन, सिद्धू-कान्हू क्रांति, टाना भगत आंदोलन, वेगड़ा भील आंदोलन, नायकड़ा आंदोलन, मनगढ़ के गोविंद गुरु जी और अल्लूरी सीताराम राजू के नेतृत्‍व में रम्‍पा आंदोलन को याद किया। प्रधानमंत्री ने देश के विभिन्न हिस्सों में जनजातीय संग्रहालयों और जन धन, गोवर्धन, वन धन, स्व-सहायता समूह, मातृत्व वंदना योजना, ग्रामीण सड़क योजना, एकलव्य विद्यालय, 90 प्रतिशत तक वन उत्पादों के लिए न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य और मिशन इन्‍द्रप्रस्‍थ जैसी योजनाओं का उल्‍लेख किया, जिनसे जनजातिय समुदाय को लाभ मिला। उन्होंने कहा कि भारत को इस भव्य विरासत से सीख लेकर अपने भविष्य को आकार देना है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 November 2022

राष्ट्रपति -जनजातीय समुदाय ने कला, शिल्‍प और कडी मेहनत से राष्‍ट्र को समृद्ध किया है

  15 नवंबर आदिवासी परंपरा को मनाने का दिन     राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भगवान बिरसा मुंडा की जयंती पर लोगों को बधाई दी है। राष्ट्रपति ने कहा कि जनजातीय समुदायों ने अपनी कला, शिल्प और कड़ी मेहनत से राष्ट्र को समृद्ध किया। आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों और गुमनाम नायकों को नमन करते हुए,  उन्‍होंने इस बात का उल्‍लेख किया कि आदिवासी समुदायों ने स्वतंत्रता संग्राम में महान योगदान दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भगवान बिरसा मुंडा और करोड़ों आदिवासी शूरवीरों के सपनों को साकार करने के लिए देश अमृतकाल के पांच प्रण की ऊर्जा के साथ आगे बढ़ रहा है। इन पांच प्रणों में विकसित भारत का लक्ष्य, औपनिवेशिक मानसिकता को खत्‍म करना, अपनी विरासत पर  गर्व करना, नागरिकों में एकता और कर्तव्यपराणता की भावना शामिल हैं। जनजातीय गौरव दिवस पर पीएम  मोदी ने वीडियो संदेश के माध्‍यम से देशवासियों को बधाई दी। भगवान बिरसा मुंडा को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्होंने कहा कि 15 नवंबर आदिवासी परंपरा को मनाने का दिन है क्योंकि भगवान बिरसा मुंडा स्वतंत्रता संग्राम के नायक होने के साथ-साथ आध्यात्मिक और सांस्कृतिक ऊर्जा के वाहक थे। प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता संग्राम में जनजातीय समुदाय के योगदान और प्रमुख जनजातीय आंदोलनों में उनकी भूमिका को स्‍मरण किया। उन्होंने तिलक मांझी के नेतृत्व में दामिन संग्राम, बुधु भगत के लरका आंदोलन, सिद्धू-कान्हू क्रांति, टाना भगत आंदोलन, वेगड़ा भील आंदोलन, नायकड़ा आंदोलन, मनगढ़ के गोविंद गुरु जी और अल्लूरी सीताराम राजू के नेतृत्‍व में रम्‍पा आंदोलन को याद किया। प्रधानमंत्री ने देश के विभिन्न हिस्सों में जनजातीय संग्रहालयों और जन धन, गोवर्धन, वन धन, स्व-सहायता समूह, मातृत्व वंदना योजना, ग्रामीण सड़क योजना, एकलव्य विद्यालय, 90 प्रतिशत तक वन उत्पादों के लिए न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य और मिशन इन्‍द्रप्रस्‍थ जैसी योजनाओं का उल्‍लेख किया, जिनसे जनजातिय समुदाय को लाभ मिला। उन्होंने कहा कि भारत को इस भव्य विरासत से सीख लेकर अपने भविष्य को आकार देना है। पीएम मोदी ने कहा कि पूरा देश आज भगवान बिरसा मुंडा की जयन्‍ती मना रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस सरकार को 15 नवम्‍बर को जनजातीय गौरव दिवस घोषित करने का अवसर मिला और पिछले वर्ष केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने इस आशय का फैसला लिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 November 2022

बाली में जी-20 शिखर सम्‍मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यूक्रेन संकट पर दिया बयान

  यूक्रेन संकट निपटने के लिए संघर्ष विराम और कूटनीति के रास्‍ते पर चलने का आह्वान किया प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने यूक्रेन संकट के समाधान के लिए संघर्ष विराम और कूटनीतिक रास्‍ता अपनाने का आह्वान किया है। उन्‍होंने कहा कि विश्‍व में शांति, सौहार्द्र और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ठोस और सामूहिक प्रतिबद्धता की आवश्‍यकता है। पीएम  मोदी ने इंडोनेशिया के बाली में खाद्य और ऊर्जा सुरक्षा के मुद्दे पर जी-20 के प्रथम कामकाजी सत्र में यह बात कही। दूसरे विश्‍व युद्ध की भयावहता को याद करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि शांति के मार्ग पर चलने के लिए उस समय नेताओं ने गंभीर प्रयास किए थे और अब हमारी बारी है। पीएम मोदी ने कहा कि जलवायु परिवर्तन, कोविड-19 महामारी, यूक्रेन के घटनाक्रम और उससे संबंधित वैश्विक समस्‍याएं विश्‍व में तबाही का कारण बनी हैं। उन्‍होंने कहा कि कोविड महामारी के बाद की अवधि के लिए नई विश्‍व व्‍यवस्‍था बनाना हम सबकी जिम्‍मेदारी है। अगले वर्ष भारत की जी-20 अध्‍यक्षता के बारे में प्रधानमंत्री ने विश्‍वास प्रकट किया कि जब महात्‍मा बुद्ध और गांधी की भूमि पर जी-20 की बैठक होगी तो यह सभी के लिए विश्‍व को शांति का स्‍पष्‍ट संदेश देने का अवसर होगा। कोविड-19 के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने कोविड महामारी के दौरान अपने एक अरब तीस करोड़ नागरिकों की खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित की और कई जरूरतमंद देशों को अनाज की आपूर्ति भी की। पीएम  मोदी ने कहा कि खाद्य सुरक्षा के संदर्भ में उर्वरकों की मौजूदा कमी बड़ा संकट है। उन्‍होंने कहा कि उर्वरक की आज की कमी कल के लिए खाद्य संकट है और विश्‍व के पास इसका कोई समाधान नहीं है। उन्‍होंने खाद और अनाज की आपूर्ति श्रृंखला स्थिर बनाने के लिए आपसी समझौता करने की आवश्‍यकता पर बल दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत सतत खाद्य सुरक्षा के लिए प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दे रहा है और मोटे अनाज जैसे पोषक और पारंपरिक अनाज को फिर लोकप्रिय बना रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 November 2022

वैश्विक विकास, खाद्य और ऊर्जा सुरक्षा, पर्यावरण तथा स्वास्थ्य सहित कई मुद्दों पर चर्चा

  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे नेताओं से चर्चा    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि वे बाली में जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान वैश्विक विकास, खाद्य और ऊर्जा सुरक्षा, पर्यावरण, स्वास्थ्य तथा डिजिटल परिवर्तन को पुनर्जीवित करने सहित कई प्रमुख मुद्दों पर अन्य नेताओं के साथ व्यापक चर्चा करेंगे। सम्मेलन के लिए रवाना होने से पहले पीएम मोदी ने कहा कि इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो शिखर सम्मेलन के समापन समारोह में जी-20 की अध्यक्षता भारत को सौंपेंगे। भारत विधिवत रूप से अगले महीने की पहली तारीख से जी-20 की अध्यक्षता ग्रहण करेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि वे बाली में जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान वैश्विक विकास, खाद्य और ऊर्जा सुरक्षा, पर्यावरण, स्वास्थ्य तथा डिजिटल परिवर्तन को पुनर्जीवित करने सहित कई प्रमुख मुद्दों पर अन्य नेताओं के साथ व्यापक चर्चा करेंगे। सम्मेलन के लिए रवाना होने से पहले श्री मोदी ने कहा कि इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो शिखर सम्मेलन के समापन समारोह में जी-20 की अध्यक्षता भारत को सौंपेंगे। भारत विधिवत रूप से अगले महीने की पहली तारीख से जी-20 की अध्यक्षता ग्रहण करेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि वे अगले वर्ष जी-20 शिखर सम्मेलन के लिए जी-20 के सदस्यों तथा अन्य आमंत्रित लोगों को भी व्यक्तिगत रूप से निमंत्रण देंगे। उन्होंने कहा कि बातचीत के दौरान वे वैश्विक चुनौतियों का एक साथ मिलकर समाधान करने के लिए भारत की उपलब्धियों और दृढ़ प्रतिबद्धता का भी उल्लेख करेंगे। पीएम  मोदी ने कहा कि भारत की जी-20 अध्यक्षता 'वसुधैव कुटुम्बकम या वन अर्थ वन फैमिली वन फ्यूचर' विषय पर आधारित होगी जो समान विकास और सभी के लिए साझा भविष्य के संदेश को रेखांकित करती है।प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि वे जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने वाले कई अन्य देशों के नेताओं से मिलेंगे और उनके साथ भारत के द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति की समीक्षा करेंगे। उन्होंने कहा कि वे कल एक स्वागत समारोह के दौरान बाली में भारतीय समुदाय को संबोधित करने के लिए उत्सुक हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 November 2022

संघ प्रमुख मोहन भागवत जनजातीय गौरव दिवस पर छत्तीसगढ़ जाएंगे

  वेजशपुर और सरगुजा जिले में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेंगे राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत छत्तीसगढ़ के चार दिन के दौरे पर हैं। इस दौरान, वे जनजातीय गौरव दिवस पर जशपुर और सरगुजा जिले में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेंगे। 15 नवम्बर को जनजातीय गौरव बिरसा मुण्डा की जयंती पर जनजातीय स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान की स्मृति में जनजातीय गौरव दिवस मनाया जाता है।भागवत आज जशपुर में बिरसा मुण्डा की प्रतिमा पर माल्यार्पण करेंगे और पूर्व भाजपा सांसद तथा केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय दिलिप सिंह जुदेव की प्रतिमा का अनावरण करेंगे। संघ प्रमुख जशपुर में आम सभा को भी सम्बोधित करेंगे। ये कार्यक्रम आर.एस.एस. के प्रमुख संगठन वनवासी कल्याण आश्रम द्वारा आयोजित किए जा रहे हैं। कल  भागवत सरगुजा जिले के मुख्यालय अंबिकापुर में आर.एस.एस. के सरगुजा और कोरिया जिला शाखा द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित पथ संचलन में हिस्सा लेंगे। संघ प्रमुख, संघ सदस्यों की उपस्थिति में कार्यक्रम को सम्बोधित भी करेंगे। डॉक्टर भागवत 16 नवम्बर को अम्बिकापुर में संघ पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की बैठक की अध्यक्षता करेंगे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 November 2022

तुर्की के इस्तांबुल में आतंकी बम विस्‍फोट

  विस्‍फोट में छह लोगों की मौत और 81 घायल   तुर्की में मध्य इस्ताम्बुल के व्यस्त इलाके में बम विस्फोट में छह लोगों की मौत हो गई और 81 घायल हो गए। यह विस्फोट कल दोपहर तक्सीम चौक इलाके में हुआ। तुर्की के उपराष्ट्रपति फुएत ओक्टे ने बताया कि विस्फोट आतंकवादी हमला हो सकता है, जिसे एक महिला ने अंजाम दिया। अब तक किसी ने इसकी जिम्मेदारी नहीं ली है। 2016 में भी आत्मघाती हमलावर ने इस इलाके को निशाना बनाया था।गृह मंत्री सोयलू ने इस्तिकलाल में धमाके को लेकर प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि बम गिराने वाले को हिरासत में लिया गया है। बता दें कि रविवार को हुए तेज धमाके में 6 लोगों की मौत हो गई थी और 81 अन्य घायल हुए थे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, धमाका मध्य इस्तांबुल के तकसीम इलाके में एक व्यस्त पैदल मार्ग पर हुआ। इस बीच तुर्की के राष्ट्रपति तैयप एर्दोगन ने एक बयान जारी कर कहा कि इस बम धामके से "आतंकवाद जैसी गंध" आ रही है। बता दें कि जहां ये बम धमाका हुआ है वो जगह काफी भीड़-भाड़ वाला है। स्थानीय लोगों से भरे इस मार्ग पर कई दुकानें और रेस्त्रां भी हैं।घटना होते ही राहगीर भाग खड़े हुए। घटना के बाद पुलिस के साथ ही एंबुलेंस और अग्निशमन की गाडि़यां वहां पहुंच गई। इंटरनेट मीडिया यूजर्स ने कहा कि दुकानें बंद हो गई हैं और एवेन्यू को बंद कर दिया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 November 2022

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा मतदान शांतिपूर्वक संपन्न

 लगभग 67 प्रतिशत मतदान , वोटों की गिनती 8 दिसंबर को   हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के एकल चरण का मतदान आज शाम शांतिपर्वूक संपन्न हो गया। शाम पांच बजे तक 65 दशमलव सात-पांच प्रतिशत मतदान दर्ज हुआ। इसके साथ ही 412 उम्‍मीदवारों के चुनावी भाग्‍य ई वी एम में दर्ज हो गया। वोटों की गिनती 8 दिसंबर को होगी। 68 सदस्‍यों वाली विधानसभा चुनाव में इस बार 24 महिलाओं सहित कुल 412 उम्‍मीदवार चुनाव मैदान में हैं। मतदान सवेरे आठ बजे शुरू हुआ और शाम पांच बजे तक चला। कई स्‍थानों पर जो मतदाता शाम पांच बजे से पहले मतदान केंद्रों में प्रवेश कर गए थे और कतारों में खड़े थे, उन्हें वोट डालने की अनुमति दी गई। बर्फीले क्षेत्रों में भीषण ठंड के बावजूद राज्य भर के मतदाता सुबह आठ बजे मतदान शुरू होने से पहले ही मतदान केंद्रों पर पहुंच गए थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 November 2022

ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन के लिए केवल कोयला नहीं, बल्कि सभी जीवाश्म ईंधन जिम्मेदार

भारत ने संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन संधि में शामिल देशों के 27वें सम्मेलन में रखा पक्ष  भारत ने संयुक्‍त राष्‍ट्र जलवायु परिवर्तन संघि में शामिल देशों के 27वें सम्‍मेलन में पर्यावरण के लिए हानिकारक ग्रीन हाउस गैसों के उत्‍सर्जन के लिए केवल कोयला ही नहीं बल्कि सभी जीवाश्‍म ईंधन को जिम्मेदार ठहराये जाने की अपील की है। सीओपी-27 के फैसलों पर अध्‍यक्षीय परामर्श के दौरान भारत ने निर्णयों में शामिल किये जाने के लिए कुछ सुझाव भी दिए। भारत ने कहा है कि पेरिस जलवायु स‍ंघि के दीर्घावधि लक्ष्‍यों में सभी जीवाश्‍म ईंधनों को चरणबद्ध रूप से समाप्‍त किया जाना शामिल है। भारत ने राष्‍ट्रीय परिस्‍थ‍ित‍ियों के अनुसार स्‍वच्‍छ ऊर्जा के वैश्विक लक्ष्‍य को हासिल करने में तेजी लाने का आग्रह किया। उसने सतत उपभोग और उत्पादन के सतत विकास लक्ष्‍य 12 पर विचार-विमर्श और पर्यावरण अनुकूल जीवन शैली के लिए व्‍यापाक अभियान चलाने के लिए अन्‍य देशों को भी आमंत्रित किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 November 2022

प्रधानमंत्री मोदी - भारत वैश्विक संकट के बावजूद नई ऊंचाईयां हासिल कर रहा है

प्रत्‍येक नीति और निर्णय का उद्देश्‍य आम लोगों के जीवन को बेहतर बनाना   प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारत ने आपूर्ति श्रृंखला में बाधा के कारण आये वैश्विक संकट के बावजूद विकास का नया अध्‍याय लिखा है। उन्‍होंने कहा कि इस कठिन दौर में भी अंतरराष्‍ट्रीय विशेषज्ञ भारत की उपलब्धियों की सराहना कर रहे हैं और भारत समूचे विश्‍व के लिए आशा का केन्‍द्र बन गया है। आज हम सभी पूरी दुनिया में एक और बात प्रमुखता से सुन रहे हैं। दुनिया के तमाम विशेषज्ञ कह रहे है कि भारत बहुत जल्‍द दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनकर इस दिशा में तेज गति से आगे बढ़ रहा है। कल आंध्र प्रदेश के विशाखापत्‍तनम में साढे दस हजार करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं के शुभारंभ के अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि यह उपलब्धि केवल इस तथ्‍य के कारण संभव हुई कि भारत ने अपने नागरिकों की आकांक्षाओं और आवश्‍यकताओं को ध्‍यान में रखते हुए काम किया। उन्‍होंने कहा कि प्रत्‍येक नीति और निर्णय का उद्देश्‍य आम लोगों के जीवन को बेहतर बनाना है। प्रधानमंत्री ने उत्पादन से जुड़े प्रोत्साहन की पीएलआई योजना, जीएसटी और राष्‍ट्रीय बुनियादी ढाचा परियोजनाओं को भारत में बढ़ते निवेश का आधार बताया और कहा कि इसी दौरान निर्धनों के लिए कल्‍याणकारी योजनाओं का विस्‍तार किया गया। पीएम  मोदी ने ऐसी कई जनकेंद्रित योजनाओं का उल्‍लेख किया और कहा कि इस अमृतकाल में भारत एक विकसित राष्‍ट्र बनने के लक्ष्‍य के साथ तेजी से विकास पथ पर बढ़ रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 November 2022

पीएम -जो लोग तेलंगाना के नाम पर फले-फुले और सत्‍ता में आए उन्‍होंने ही राज्‍य को पीछे धकेला

  तेलंगाना में रामागुंडम उर्वरक और आरएफसीएल संयंत्र राष्‍ट्र को समर्पित     प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि यह अफसोस की बात है जो लोग तेलंगाना के नाम पर फले-फुले और सत्‍ता में आए उन्‍होंने ही राज्‍य को पीछे धकेल दिया है। तेलंगाना के बेगमपेट में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए पीएम  मोदी ने कहा कि तेलंगाना की  सरकार और नेताओं ने हमेशा प्रदेश के  सामर्थ्‍य और लोगों की प्रतिभा के साथ अन्‍याय किया। उन्‍होंने कहा कि जिस राजनीतिक दल पर तेलंगाना की जनता ने सबसे अधिक विश्‍वास किया उसी ने तेलंगाना के साथ बड़ा विश्‍वासघात किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब अंधेरा छा जाता है तो उस स्थिति में कमल खिलना शुरू हो जाता है और तेलंगाना में कमल को खिलते देखा जा सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  अब से कुछ समय बाद तेलंगाना में रामागुंडम उर्वरक और रसायन लिमिटेड - आरएफसीएल संयंत्र राष्‍ट्र को समर्पित करेंगे। पीएम मोदी बेगमपेट हवाई अड्डे से हेलीकॉटर के जरिए रामागुंडम पहुंचेंगे। एफसीआई का संयंत्र बंद होने के दो दशक पश्‍चात नवीकृत आरएफसीएल को देश में प्रमुख उर्वरक संयंत्र के रूप में विकसित किया गया है। प्रधानमंत्री ने रामागुंडम में आरएफसीएल गैस आधारित उर्वरक संयंत्र के लिए 2016 में शिलान्‍यास किया था। यह हैदराबाद से 250 किलोमीटर से अधिक दूर तेलंगाना के पेड्डापल्‍ली जिले में स्थित है। नीम की परत वाले 12 लाख 70 हजार मीट्रिक टन यूरिया की उत्‍पादन क्षमता के साथ आरएफसीएल ऐसा पहला प्रमुख संयंत्र है जहां उत्‍पादन शुरू हो गया है। घरेलू स्‍तर पर यूरिया का उत्‍पादन बढ़ाने, यूरिया का आयात घटाने, मांग और आपूर्ति में अंतर दूर करने के उद्देश्‍य से तैयार यह संयंत्र यूरिया क्षेत्र में आत्‍मनिर्भरता प्राप्‍त करने में सहायता करेगा। आरएफसीएल मुख्‍य रूप से तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और पड़ोसी राज्‍यों महाराष्‍ट्र और छत्‍तीसगढ़ के किसानों की आवश्‍यकता पूरी करेगा। इससे आयात घटने और कारखाने में माल की आपूर्ति के लिए एमएसएमई वेंडर्स के विकास को प्रोत्‍साहन के जरिए अर्थव्‍यवस्‍था को भी बढ़ावा मिलेगा। प्रधानमंत्री करीब एक हजार करोड़ रुपए की लागत से बनी नई रेलवे लाइन भद्राचलम रोड- सट्टुपल्‍ली का उद्घाटन भी करेंगे। इस रेलवे लाइन से क्षेत्र में रेल संपर्क बढ़ने की संभावना है।पीएम मोदी 22 हजार करोड़ रुपए से अधिक की विभिन्‍न सड़क परियोजनाओं का शिलान्‍यास भी करेंगे। इनमें शामिल हैं - विभिन्‍न राजमार्गों पर मेडक- सिद्दीपेट-एल्‍कातुर्ती खंड, बोधन-बसर-भैंसा खंड, सिरेन्‍चा से महादेवपुर खंड। प्रधानमंत्री का संबोधन सुनने के लिए बड़ी संख्‍या में लोग रामागुंडम के एनटीपीसी स्‍टेडियम पहुंच रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 November 2022

पीएम मोदी- भारत विश्व भर के निवेशकों के पसंदीदा स्थल के रूप में तेजी से उभर रहा

  भारत एक विकसित राष्ट्र की कल्पना को साकार करने के लिए तेज गति से आगे बढ़ेगा  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारत तेजी से, दुनिया भर के निवेशकों के लिए पसंदीदा निवेश गंतव्य बनता जा रहा है। उन्‍होंने कहा है कि भारत नए विचारों, नए समाधानों और तीव्र विकास का केंद्र बिंदु बन गया है । मोदी ने कहा कि सरकार की सभी नीतियों के केंद्र में जन सामान्य का कल्याण है। आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में कई विकास परियोजनाओं के शुभारंभ करने के अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि आज जब दुनिया संकट से गुजर रही है, भारत कई क्षेत्रों में बडी उपलब्धियां हासिल कर रहा है और नया इतिहास रच रहा है। उन्होंने कहा कि दुनिया भारत की इस विकास यात्रा को देख रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि विशाखापत्तनम में आज शुरू की जा रही कनेक्टिविटी, तेल और गैस क्षेत्र से जुड़ी परियोजनाओं से आंध्र प्रदेश के विकास को बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि विशाखापत्तनम ने भारत को दुनिया से जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। श्री मोदी ने कहा कि पश्चिम एशिया से लेकर रोम तक, विशाखापत्तनम के बंदरगाह भारत के व्यापार के केंद्र थे। प्रधानमंत्री ने कहा कि आंध्र प्रदेश ने शिक्षा से उद्यम तक, तकनीक से चिकित्सा तक, हर क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई है। उन्‍होंने कहा कि आजादी का अमृत काल के साथ, भारत प्रगति के पथ पर बढ़ रहा है । मोदी ने कहा कि आधुनिक बुनियादी ढांचे के निर्माण की परिकल्‍पना समावेशी विकास में निहित है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज जिस आर्थिक गलियारे की शुरूआत की जा रही है, उससे आंध्र प्रदेश में व्यापार और विनिर्माण को बढ़ावा देने वाली मल्टीमॉडल कनेक्टिविटी में सुधार करेगा। मोदी ने नीली अर्थव्यवस्था से जुड़ी अनंत संभावनाओं को साकार करने के लिए बड़े पैमाने पर देश के प्रयासों की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि देश तकनीकी नेतृत्व वाले नवाचारों के माध्यम से अंतिम चरण के लिए भी अपने अवसरों में सुधार कर रहा है। इससे भारत एक विकसित राष्ट्र की कल्पना को साकार करने के लिए तेज गति से आगे बढ़ेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि ड्रोन से लेकर गेमिंग, अंतरिक्ष से लेकर स्‍टार्टअप तक हर क्षेत्र को अब आगे बढ़ने का अवसर मिल रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 November 2022

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव का मतदान

एक बजे तक 37 प्रतिशत से अधिक वोट डाले गए हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए मतदान जारी है। आज सुबह आठ बजे शुरू हुआ मतदान शाम पांच बजे तक जारी रहेगा। दोपहर बाद एक बजे तक 37 प्रतिशत से अधिक वोट डाले गए। विधानसभा की 68 सीटों के लिए कुल 412 उम्‍मीदवार चुनाव मैदान में है। इनमें 24 महिलाएं शामिल हैं। मुख्‍य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच है, जबकि आम आदमी पार्टी राज्‍य में जगह बनाने की कोशिश में है। भाजपा और कांग्रेस ने सभी सीटों पर उम्‍मीदवार खड़े किए हैं। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश के मतदाताओं से विधानसभा चुनाव में अधिक संख्‍या में मतदान की अपील की है। पीएम  मोदी ने आज सुबह ट्वीट में कहा कि हिमाचल प्रदेश में आज सभी विधानसभा सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं। उन्‍होंने लोकतंत्र के इस उत्‍सव में पूरे उत्‍साह के साथ भाग लेने और मतदान का एक नया रिकॉर्ड बनाने का आह्वान किया। प्रधानमंत्री ने पहली बार वोट डाल रहे मतदाताओं को शुभकामनाएं दी हैं। केन्‍द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी प्रदेश के मतदाताओं से अपील की है कि वे राज्‍य में मजबूत सरकार के गठन के लिए मतदान में बढ-चढकर हिस्‍सा लें। अमित  शाह ने आज सवेरे ट्वीट में कहा कि एक मजबूत और भ्रष्‍टाचार मुक्‍त सरकार ही लोगों की आकांक्षाएं पूरी कर सकती है और हिमाचल प्रदेश को विकास में अ‍ग्रणी रख सकती है। सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा है कि मतदाता राज्‍य के स्‍वर्णिम भविष्‍य के लिए वोट डाल रहें हैं। एक ट्वीट में उन्‍होंने कहा कि भ्रष्‍टाचार मुक्‍त सरकार राज्‍य को विकास के मार्ग पर ले जाएगी। उन्होंने मतदाताओं से मजबूत लोकतंत्र के लिए वोट डालने की अपील की।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 November 2022

गुजरात में उम्‍मीदवारों के नाम जारी होने के साथ ही राजनीतिक गतिविधियां तेज

कांग्रेस , बीजेपी , आप पार्टियां लगा रहीं दम     गुजरात में मुख्‍य राजनीतिक दलों के उम्‍मीदवारों के नाम जारी होने के साथ ही राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई हैं। राज्‍य में चुनाव प्रचार भी जोर पकड़ रहा है। भारतीय जनता पार्टी के अग्रेसर गुजरात अभियान के हिस्‍से के रूप में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्‍ठ नेता और केन्‍द्रीय मंत्री परषोत्‍तम रूपाला आज बनासकांठा में उत्‍तरी गुजरात की महिला मवेशी पालकों से वार्तालाप करेंगे और पार्टी के चुनाव घोषणापत्र के बारे में उनके सुझाव हासिल करेंगे। पार्टी नेता गिरिराज सिंह आज शाम सूरत में गैर- गुजराती भाषियों को संबोधित करेंगे। इस बीच, भारतीय जनता पार्टी और अन्‍य राजनीतिक दलों के उम्‍मीदवार अपने नामांकन पत्र दाखिल कर रहे हैं। विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तारीख 14 नवम्‍बर है। कांग्रेस ने गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए गुरुवार को 46 उम्मीदवारों की अपनी दूसरी सूची जारी की। पार्टी ने अब तक कुल 89 उम्मीदवारों की घोषणा की है। कांग्रेस ने पिछले शुक्रवार को चुनाव के लिए 43 उम्मीदवारों की अपनी पहली सूची जारी की थी। दूसरी सूची में जिन नेताओं के नाम शामिल हैं, उनमें भुज से अर्जनभाई भूडिया, जूनागढ़ से भीखाभाई जोशी, सूरत पूर्व से असलम साइकिलवाला, सूरत उत्तर से अशोकभाई पटेल और वलसाड से कमलकुमार पटेल उम्मीदवार हैं। कांग्रेस भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य में सत्ता से बाहर करने की कोशिश में जुटी है। राज्य में भाजपा दो दशकों से अधिक समय से सत्ता में है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 November 2022

कांग्रेस ने गुजरात चुनाव के लिए 46 उम्‍मीदवारों की एक और सूची

कांग्रेस ने पहले 43 उम्मीदवारों का ऐलान किया था   कांग्रेस ने आगामी गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए 46 उम्‍मीदवारों की एक और सूची जारी कर दी है। पार्टी ने भुज से अर्जनभाई भूडिया को, मांडवी से राजेन्‍द्र सिंह जडेजा, सूरत उत्‍तर से अशोक भाई पटेल और लिम्‍बदी निर्वाचन क्षेत्र से कल्‍पना करमसी भाई मकवाणा को उम्‍मीदवार बनाया है। इन सभी नामों को पार्टी की केन्‍द्रीय चुनाव समिति ने अंतिम रूप दिया। इससे पहले कांग्रेस ने राज्‍य विधानसभा चुनाव के लिए 43 उम्‍मीदवारों की सूची जारी की थी।कांग्रेस ने पहले 43 उम्मीदवारों का ऐलान किया था। अब नई सूची में 46 प्रत्याशियों के नाम की घोषणा की गई है। गुजरात में दो चरणों में चुनाव होना है। 8 दिसंबर को वोटों की गिनती होगी। कांग्रेस ने गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए गुरुवार को 46 उम्मीदवारों की अपनी दूसरी सूची जारी की। पार्टी ने अब तक कुल 89 उम्मीदवारों की घोषणा की है। कांग्रेस ने पिछले शुक्रवार को चुनाव के लिए 43 उम्मीदवारों की अपनी पहली सूची जारी की थी। दूसरी सूची में जिन नेताओं के नाम शामिल हैं, उनमें भुज से अर्जनभाई भूडिया, जूनागढ़ से भीखाभाई जोशी, सूरत पूर्व से असलम साइकिलवाला, सूरत उत्तर से अशोकभाई पटेल और वलसाड से कमलकुमार पटेल उम्मीदवार हैं। कांग्रेस भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य में सत्ता से बाहर करने की कोशिश में जुटी है। राज्य में भाजपा दो दशकों से अधिक समय से सत्ता में है। कुल 182 सदस्यीय गुजरात विधानसभा के लिए दो चरणों में एक दिसंबर और पांच दिसंबर को मतदान होगा और मतगणना आठ दिसंबर को होगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 November 2022

2022 को आसियान-भारत मित्रता वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है

कंबोडिया के प्रधानमंत्री हुन सेन के साथ द्विपक्षीय मुद्दों पर भी होगी चर्चा उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ आसियान-भारत स्मृति शिखर सम्मेलन और 17वीं पूर्वी एशिया शिखर बैठक में हिस्सा लेने के लिए तीन दिवसीय यात्रा पर कंबोडिया रवाना हो गए हैं। बता दें कि भारत कांबोडिया सहित आसियान के साथ अपने संबंधों को काफी महत्व देते आ रहे हैं और यह भारत की एक्ट ईस्ट नीति के केंद्र रहा हैं।2022 को आसियान- भारत मित्रता वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। इस वर्ष भारत आसियान भागीदारी के तीस वर्ष भी पूरे हो रहे हैं। इस अवसर पर देशभर में अनेक कार्यक्रम आयोजित करने की योजना बनाई गई है। इस कार्यक्रम के हिस्‍से के रूप में भारतीय मीडिया का एक शिष्‍टमंडल आसियान- भारत मीडिया आदान-प्रदान कार्यक्रम के अंतर्गत आठ नवम्‍बर से 13 नवम्‍बर तक सिंगापुर और कम्‍बोडिया की यात्रा पर हैं। इस यात्रा के पहले चरण में शिष्‍टमंडल ने सिंगापुर भारत वाणिज्‍य और उद्योगमंडल का दौरा किया। शिष्‍टमंडल ने भारत सिंगापुर संबंधों पर विचारों का आदान-प्रदान किया, जिसमें व्‍यापार अनुकूल नीतियों और भारत से सिंगापुर गए व्‍यापार समुदाय की आकांक्षाओं पर ध्‍यान केन्द्रित किया गया। शिष्‍टमंडल ने सिंगापुर में भारतीय उच्‍चायुक्‍त  पी. कुमारन से भी भेंट की और उनसे दोनों देशों के बीच महत्‍वपूर्ण भागीदारी की जानकारी प्राप्‍त की। अपनी यात्रा का पहला चरण पूरा करने के बाद शिष्‍टमंडल कम्‍बोडिया पहुंच गया है। शिष्‍टमंडल ने भारत के उपराष्‍ट्रपति जगदीप धनखड़ के आसियान सम्‍मेलन में हिस्‍सा लेने के लिए प्रस्‍तावित कम्‍बोडिया दौरे से पहले अंकोरवाट और ता-प्रोह्म मंदिर परिसरों का दौरा किया। उन्‍होंने भारत सरकार और भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण द्वारा इन यूनेस्‍को विश्‍व धरोहर स्‍थलों के जीर्णोद्धार के लिए किये गये कार्यों का जायजा लिया।उपराष्ट्रपति धनखड़ 11-13 नवंबर तक कंबोडिया की यात्रा पर रहेंगे। वह 12 नवंबर को नामपेन्ह में आसियान-भारत स्मृति शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। इस वर्ष आसियान-भारत संबंधों की 30वीं वर्षगांठ है और इसे आसियान-भारत मित्रता वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। उपराष्ट्रपति धनखड़ अपनी यात्रा के दौरान कंबोडिया के प्रधानमंत्री हुन सेन के साथ द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा करेंगे। धनखड़  कंबोडिया के नरेश से भी मुलाकात करेंगे। आसियान के 10 सदस्य देश शामिल हैं। इन देशों में कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओ पीडीआर, मलेशिया, सिंगापुर, थाईलैंड, फिलीपीन, वियतनाम ब्रूनेई दारूस्सलाम, शामिल हैं। आठ डायलॉग पार्टनर हैं, जिसमें भारत, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, अमेरिका और रूस शामिल हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 November 2022

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने की राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजनाओं की समीक्षा की

  असम, मेघालय, सिक्किम और नगालैंड में विकास परियोजनाओं की समीक्षा की केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने असम, मेघालय, सिक्किम और नगालैंड की राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजनाओं की समीक्षा की। असम के मुख्‍यमंत्री हि‍मन्‍ता बिस्‍व सरमा, केन्‍द्रीय मंत्री जनरल वी के सिंह, मंत्रालय और चार राज्‍यों के वरिष्‍ठ अधिकारियों ने बैठक में भाग लिया। बैठक के दौरान भूमि अधिग्रहण, जारी परियोजनाओं की प्रगति, नवीन प्रौद्योगिकियों का उपयोग, विवाद और मध्‍यस्‍थता तथा संभव वित्‍तीय उपायों पर चर्चा की गई। गडकरी ने चार राज्‍यों में परियोजनाओं में हुई देरी की समीक्षा भी की। उन्‍होंने अधिकारियों को परियोजनाएं शीघ्र पूरी करने के निर्देश दिये और पूर्वोत्‍तर राज्‍यों में उच्‍चस्‍तरीय परिवहन अवसंरचना विकसित करने के लिए केन्‍द्र और राज्‍य की एजेंसियों के बीच समन्‍वय तथा भागीदारी पर जोर दिया। पूर्वोत्‍तर की राष्‍ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की समीक्षा के बाद केन्‍द्रीय मंत्री ने कहा कि असम के लिए पचास हजार करोड रूपये, मेघालय के लिए नौ हजार करोड़ रुपये, नगालैंड के लिए पांच हजार करोड़ रुपये और सिक्किम के लिए चार हजार करोड़ रुपये की नई परियोजनाएं स्‍वीकृत की गई हैं। उन्‍होंने कहा कि असम में दो साल के भीतर सड़कों को अंतरराष्ट्रीय स्तर के अनुरूप विकसित किया जाएगा। गडकरी ने असम के मुख्यमंत्री को राज्य में सडक अवसंरचना के लिए भूमि अधिग्रहण प्रक्रिया के त्‍वरित प्रयासों के लिए धन्‍यवाद दिया।नितिन गडकरी ने बुधवार को चार पूर्वोत्तर राज्यों में 68 हजार करोड़ रुपये की नई सड़क परियोजनाओं को मंजूरी दी है। क्षेत्र में विभिन्न राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की समीक्षा के बाद देर रात संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि असम के लिए 50,000 करोड़ रुपये, मेघालय के लिए 9,000 करोड़ रुपये, नागालैंड के लिए 5,000 करोड़ रुपये और 4,000 करोड़ रुपये की नई परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है। उन्होंने कहा, 'हमारा उद्देश्य 2024 तक पूर्वोत्तर में सड़क परिवहन के पूरे परिदृश्य को बदलना है। हमारा लक्ष्य इस क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय मानकों की सड़कें बनाने का है।'

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 November 2022

वित्त मंत्री निर्मला सीतारामन ने हरित बॉन्‍ड की रूपरेखा को मंजूरी दी

  हरित बॉण्‍ड सतत पर्यावरणीय और जलवायु अनुकूल निवेश का वित्‍तीय उपाय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल अपने बजट भाषण में घोषणा की थी कि सरकार हरित अवसंरचना ढांचे के लिए संसाधन जुटाने की खातिर सॉवरेन हरित बॉन्ड जारी करने का प्रस्ताव रखती है। उन्होंने बजट 2022-23 में कहा था, ‘‘इस राशि को सार्वजनिक क्षेत्र की उन परियोजनाओं में लगाया जाएगा, जो अर्थव्यवस्था की कार्बन तीव्रता को कम करने में मदद करती हैं।’’  निर्मला सीतारमण ने भारत के हरित बॉण्‍ड की रूपरेखा को मंजूरी दे दी है। हरित बॉण्‍ड सतत पर्यावरणीय और जलवायु अनुकूल परियोजनाओं में निवेश सृजित करने का वित्‍तीय उपाय है। इस मंजूरी से पेरिस जलवायु संधि के तहत स्‍वीकृत राष्‍ट्रीय योगदान की प्रतिबद्धता पूरी हो सकेगी। इससे हरित परियोजनाओं के लिये वैश्विक और घरेलू निवेश आकृष्‍ट करने में मदद मिलेगी। वित्‍त मंत्रालय ने बताया कि हरित बॉण्‍ड की रूपरेखा प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा पिछले वर्ष ग्‍लासगो जलवायु सम्‍मेलन में घोषित पंचामृत के तहत भारत की प्रतिबद्धताओं के अनुरूप है। मंत्रालय ने हरित वित्‍त कार्यसमिति गठित की है, जिसमें  सम्‍बद्ध मत्रालयों का प्रतिनिधित्‍व होगा। केंद्र सरकार के मुख्‍य आर्थिक सलाहकार इसकी अध्‍यक्षता करेंगे। वित्‍त मंत्रालय को परियोजनाओं के चयन और मूल्‍यांकन में सहयोग के लिए समिति की बैठक वर्ष में कम से कम दो बार होगी। समिति यह सुनिश्चित करेगी कि जारी होने की तिथि से 24 महीने के अंदर परियोजनाओं का आंवटन कर दिया जाए। सरकार की चालू वित्त वर्ष की अक्टूबर-मार्च अवधि के दौरान कुल 5.92 लाख करोड़ रुपये का कर्ज लेने की योजना है। 2022-23 के बजट में सरकार ने 14.31 लाख करोड़ रुपये के सकल बाजार ऋण का अनुमान लगाया था। इसमें से इस वित्त वर्ष के दौरान 14.21 लाख करोड़ रुपये उधार लेने का फैसला किया है, जो बजट अनुमान से 10,000 करोड़ रुपये कम है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 November 2022

आतंक रोधीऔर राज्यों की मादक पदार्थ नियंत्रण एजेंसियों के बीच सूचना हो साझा

पीएम मोदी ने आंतरिक सुरक्षा मजबूत करने के अनेक उपाय किए  गृह मंत्री ने आंतकवाद रोधी और राज्‍यों की मादक पदार्थ नियंत्रण एजेंसियों के बीच सूचना साझा करने का तंत्र मजबूत करने और सहयोग बढ़ाने पर बल दिया। उन्‍होंने कहा कि वाम उग्रवाद को वित्तीय और साजोसामान की मदद देने का जरिया खत्म किया जाना जरूरी है। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि नरेन्‍द्र मोदी सरकार ने पिछले आठ वर्ष में देश की आंतरिक सुरक्षा मजबूत करने के अनेक उपाय किए हैं। कल नई दिल्‍ली में खुफिया ब्‍यूरो के अधिकारियों के साथ बातचीत में शाह ने कहा कि ब्‍यूरो ने स्‍वतंत्रता प्राप्ति के बाद से देश में शांति बनाए रखने में महत्‍वपूर्ण योगदान किया है। गृह मंत्री ने आंतकवाद रोधी और राज्‍यों की मादक पदार्थ नियंत्रण एजेंसियों के बीच सूचना साझा करने का तंत्र मजबूत करने और सहयोग बढ़ाने पर बल दिया। उन्‍होंने कहा कि वाम उग्रवाद को वित्तीय और साजोसामान की मदद देने का जरिया खत्म किया जाना जरूरी है। उन्‍होंने कहा कि भारत को सीमापार से मादक पदार्थों की तस्‍करी रोकने के लिए ड्रोनरोधी प्रौद्योगिकी का अधिकतम उपयोग करना होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 November 2022

मजबूत और डबल इंजन की सरकार करेगी हिमाचल प्रदेश में चुनौतियों का सामना

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश में कांगडा के चंबी में चुनावी सभा को संबोधित किया   भारतीय जनता पार्टी के वरिष्‍ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज हिमाचल प्रदेश में कांगडा के चंबी में चुनाव सभा को संबोधित किया। इस अवसर पर उन्‍होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश को एक स्थिर और मजबूत सरकार की जरूरत है। पीएम मोदी ने कहा कि मजबूत और डबल इंजन की सरकार के होने से ही हिमाचल प्रदेश, सभी चुनौतियों का सामना कर पाएगा और नई ऊंचाईयां हासिल करेगा।  कांग्रेस पर तंज कसते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में हिमाचल प्रदेश में कमजोर वर्गों के लिए केवल 15 आवास बने थे लेकिन भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल में कमजोर वर्गों के लिए दस हजार आवासों की मंजूरी दी गई। इनमें से आठ हजार आवास बनकर तैयार हो गये हैं।पीएम मोदी ने कहा कि देश के विकास के लिए हर स्‍तर पर काम किया जा रहा है। प्रधानमंत्री आज बाद में हमीरपुर जिले के सुजानपुर में भी जनसभा को संबोधित करेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 November 2022

पीएम नरेन्द्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर में चिकित्सा शिक्षा के नए युग की सराहना की

  चिकित्सा बुनियादी ढांचे को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से एक महत्वपूर्ण प्रयास   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर में चिकित्सा शिक्षा के नए युग की सराहना की है। प्रधानमंत्री ने 20 जिला सरकारी अस्पतालों में 265 डीएनबी पोस्ट-ग्रेजुएट मेडिकल सीटें देने के सरकार के फैसले की सराहना की और कहा कि यह जम्मू-कश्मीर के युवाओं को सशक्त बनाने और चिकित्सा बुनियादी ढांचे को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से एक महत्वपूर्ण प्रयास है। इनमें 50 प्रतिशत सीटें स्थानीय सेवारत डॉक्टरों के लिए आरक्षित रखी गई हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने एक ट्वीट में कहा कि नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर के जिला अस्पतालों में 265 डीएनबी स्‍नात्‍कोत्‍तर सीटें देने से केन्‍द्रशासित प्रदेश में चिकित्सा शिक्षा के एक नए युग की शुरुआत हो रही है। इससे जम्मू-कश्मीर के डॉक्टरों को अपने क्षेत्र में प्रशिक्षित होने का अवसर मिलेगा।   एक और कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने जी-20 की भारत की अध्‍यक्षता के लिए लोगो, थीम और वेबसाइट का अनावरण किया पीएम ने  कहा- भारत का मंत्र- ''एक पृथ्वी, एक परिवार और एक भविष्य'' प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि जी-20 समूह की अध्‍यक्षता भारत के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय महत्‍व के मुद्दों पर दबाव बनाने के वैश्विक एजेंडे में योगदान करने का अनूठा अवसर है। मोदी ने कल भारत की अध्यक्षता में जी-20 समूह का प्रतीक चिह्न, विषय और वेबसाइट का अनावरण किया। इस लोगो में राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के जीवंत रंगों- केसरिया, सफेद, हरे और नीले रंग से प्रेरित है। भारत पहली दिसम्‍बर को जी-20 की अध्‍यक्षता संभालेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि जी-20 का प्रतीक चिन्ह आशा का प्रतीक है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जी-20 विश्‍व को आपसी तालमेल के साथ एकजुट करेगा।   उन्‍होंने कहा कि स्‍वतंत्रता के बाद भारत विश्‍व को एकजुट करने के लिए महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 November 2022

मतदाता सूची के विशेष पुनरीक्षण कार्यक्रम की शुरूआत

   निर्वाचन आयोग ने देशभर में की विशेष पुनरीक्षण कार्यक्रम की शुरूआत मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त राजीव कुमार ने सभी पात्र नागरिकों से अपील की है कि वे आज से शुरू हो रहे राष्‍ट्रव्‍यापी मतदाता सूचियों के विशेष पुनरीक्षण और नवीनीकरण कार्य में हिस्‍सा लें। कुमार मतदाता पंजीकरण के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए महाराष्‍ट्र के पुणे में आयोजित साइकिल रैली में भाग लेने के बाद बोल रहे थे। इससे पहले मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त ने पुणे में बालेवाडी इलाके में छत्रपति शिवाजी महाराज स्‍पोर्टस् कॉम्‍पलैक्‍स से रवाना हुई साइकिल रैली में हिस्‍सा लिया। चुनाव आयुक्‍त अनूप चंद्र पांडेय, राज्‍य के मुख्‍य चुनाव अधिकारी श्रीकांत देशपाण्‍डे, पुणे के संभागीय आयुक्‍त सौरभ राव, जिलाधिकारी राजेश देशमुख, ओलिम्पिक खिलाडी अंजलि भागवत, फिल्‍म निर्देशक नागराज मंजुले और समाज के सभी वर्गों के मतदाता इस अवसर पर उपस्थित थे। मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त हर वर्ष अक्‍टूबर, नवम्‍बर के महीने में जिन नागरिकों के नाम मतदाता सूचियों में दर्ज नहीं हैं, उनके लिए विशेष पुनरीक्षण और नवीनीकरण अभियान चलाते हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार और चुनाव आयुक्त अनुप चंद्र पांडे ने आज पुणे में सावित्रीबाई फुले विश्वविद्यालय परिसर में युवा मतदाताओं के लिए आयोजित मल्टी मीडिया प्रदर्शनी और सांस्कृतिक कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इस अवसर पर कई युवा मतदाता पहली बार मतदाता के रूप में अपना नाम दर्ज कराने के लिए एकत्र हुए। उन्हें मतदाता हेल्पलाइन ऐप के बारे में जानकारी दी गई, जिसके माध्यम से वे मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज करा सकते हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 November 2022

न्यायमूर्ति धनंजय यशवंत चंद्रचूड़ ने उच्‍चतम न्‍यायालय के नए मुख्य न्यायाधीश की शपथ ली

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने  डी वाई चंद्रचूड़ को 50वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ दिलाई राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने आज राष्ट्रपति भवन में न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ को 50वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ दिलाई। न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने न्यायमूर्ति यू0 यू0 ललित का स्थान लिया है, जो कल सेवानिवृत्त हो गए। शपथ ग्रहण समारोह के बाद पत्रकारों से बातचीत में न्‍यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने कहा कि आम नागरिकों की सेवा करना उनकी प्राथमिकता है। उन्होंने यह भी कहा कि वे रजिस्ट्री और न्यायिक प्रक्रियाओं में सुधार के लिए काम करेंगे। 1959 में जन्मे, न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ 13 मई 2016 को सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश नियुक्त किए गए थे। इससे पहले उन्होंने इलाहाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्य किया था। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के कैंपस लॉ सेंटर से एलएलबी की पढ़ाई पूरी की थी और अमरीका के हार्वर्ड लॉ स्कूल से एलएलएम की डिग्री तथा न्यायिक विज्ञान में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की। शपथ ग्रहण समारोह के दौरान उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, अमित शाह, राजनाथ सिंह और किरेन रिजिजू सहित कई केंद्रीय मंत्री तथा अन्य गणमान्य व्यक्ति राष्ट्रपति भवन में मौजूद थे।न्यायमूर्ति धनंजय यशवंत चंद्रचूड़ ने बुधवार, 9 नवंबर, 2022 को भारत के 50वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ली. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह के दौरान उन्हें शपथ दिलाई. इससे पहले भारत के इतिहास में मुख्य न्यायाधीश के रूप में सबसे छोटे कार्यकाल की सेवा करने वाले भारत के 49वें मुख्य न्यायाधीश यू यू ललित पद थे जिन्होंने 27 अगस्त 2022 को शपथ ली थी और जो 8 नवंबर 2022 को समाप्त हुआ है, उनसे पहले यह कार्यालय एन वी रमना के पास था.

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 November 2022

ठग सुकेश चंद्रशेखर ने बढ़ाई केजरीवाल की मुसीबतें

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को  सुकेश ने किया चैलेंज     दिल्ली में राजनीति अपने चरम पर हैं।  वहीं आम आदमी पार्टी की मुसीनातें भी कम होती नजर नहीं आ रही है। सुकेश चंद्रशेखर ठगी के आरोपों में  जेल में हैं और वहां से चिट्ठियां लिखकर सनसनीखेज खुलासे कर रहे हैं। सुकेश चंद्रशेखर ने अपनी ताजा चिट्ठी में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को चैलेंज किया है। सुकेश चंद्रशेखर अब तक कई चिट्ठियां लिख चुका है। पिछली चिट्ठी में उसने अरविंद केजरीवाल पर 50 करोड़ रुपए लेने का आरोप लगाया था। साथ ही कहा था कि अरविंद केजरीवाल ने ऑफर दिया था कि ये सुकेश 500 करोड़ का पार्टी फंड लेकर आता है तो उसे कर्नाटक में बड़ा पद दिया जाएगा। सुकेश ने लिखा है कि मैंने आम आदमी पार्टी, अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्रियों पर जो आरोप लगाए हैं, सब सच्चे हैं। यदि वह सच है तो अरविंद केजरीवाल इस्तीफा दे दें, और यदि वो झूठा है तो उसे फांसी के फंदे पर टांग दिया  जाए। सुकेश का कहना है कि उसने आम आदमी पार्टी और उसके नेताओं को करोड़ों रुपए दिए हैं और उसके पास इन ट्रांजेक्शन के प्रमाण हैं। वो किसी भी जज या कोर्ट के समक्ष ये प्रमाण पेश करने को तैयार है।वहीं अब भाजपा ने आम आदमी पार्टी और उसके नेताओं पर नया हमला बोला है। भाजपा नेता और सांसद मनोज तिवारी ने सुकेश चंद्रशेखर, अरविंद केजरीवाल और सत्येंद्र जैन का पॉलीग्राफ लाई डिटेक्टर टेस्ट करवाने की मांग की है।  सुकेश ने अपनी चिट्ठी में लिखा था, 'अगर मैं देश का सबसे बड़ा ठग था तो 2016 के दौरान जब मैंने व्यक्तिगत रूप से कैलाश गहलोत की उपस्थिति में असोला में अपने खेत में 50 करोड़ रुपये दिए थे, और उसके बाद उसी शाम केजरीवाल और जैन मुझसे मिलने आए थे। हयात, भीकाजी काम प्लेस में रात का खाना, जहां मैं रह रहा था'।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 November 2022

अमरीका में संसदीय चुनाव के लिए मतदान प्रक्रिया शुरू

चार करोड़ 20 लाख से अधिक मतदाताओं ने इस्तेमाल किया अमरीका में संसदीय चुनाव के लिए मतदान की प्रक्रिया शुरू हो गई है। चार करोड़ 20 लाख से अधिक मतदाता डाक आदि माध्‍यमों से अपने मताधिकार का इस्‍तेमाल कर चुके हैं। अमरीका में अधिकांश मतदाताओं को व्यक्तिगत रूप से या फिर मेल के माध्‍यम से मतदान करने की अनुमति दी जाती है। प्रतिनिधि सभा की 435 सीटों के लिए आज वोट डाले जाएंगे जबकि ऊपरी सदन सीनेट की 35 सीटों के लिए मतदान होना है। इसके अलावा 50 में से 36 प्रान्‍तों के लिए गवर्नर का चुनाव भी किया जाएगा। डेमोक्रेट्स और रिपब्लिकन उम्‍मीदवार मतदाताओं को अपने पक्ष में करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। इन चुनावों में गर्भपात के अधिकार, प्रवास, अपराध और मंहगाई जैसे कुछ प्रमुख मुद्दे छाए हुए हैं। राष्‍ट्रपति जो बाइडेन और पूर्व राष्‍ट्रपति डॉनल्‍ड ट्रम्‍प भी रैलियां कर रहे हैं।बाइडन के कार्यकाल में शेष दो साल अमेरिकी संसद पर किसका नियंत्रण रहेगा। इसके लिए 50 राज्यों के 435 सीटों पर मतदान होना है। इसमें बहुमत के लिए 218 सीटें चाहिए। इसमें यदि रिपब्लिकन पार्टी की जीत होती है तो 3 जनवरी 2023 से 3 जनवरी 2025 तक देश की संसद के सभी फैसले उनके हाथ में रहेंगे। ट्रंप ने राष्ट्रपति का पद छोड़ने के बाद रिपब्लिकन पार्टी पर अपनी पकड़ बनाए रखी है। अमेरिका में हाउस आफ रिप्रजेंटेटिव्स में 435 सीट हैं, ऊपरी सदन में 100 सीट हैं। रिप्रजेंटेटिव्स का कार्यकाल 2 साल का है, हर 2 साल बाद चुनाव होता है। सीनेट सदस्य 6 साल तक रहते हैं, इनमें एक तिहाई का चुनाव हर 2 साल में होता है।  50 राज्यों के 435 सीटों पर वोटिंग हो रही। निचले सदन हाउस आफ रिप्रजेंटेटिव्स की सभी 435 सीटों पर, जबकि ऊपरी सदन की एक तिहाई यानी 34 सीट पर चुनाव है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 November 2022

वैश्विक जलवायु संकट से निपटने के प्रयास पर्याप्‍त नहीं है

  प्राकृतिक दुष्‍प्रभावों को तत्‍काल समझने की आवश्‍यकता पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेन्‍द्र यादव ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए विश्‍व के उपशमन प्रयासों की गति पर्याप्‍त नहीं है। उन्‍होंने कहा कि दुनिया को सिलसिलेवार प्राकृतिक दुष्‍प्रभावों को तत्‍काल समझने की आवश्‍यकता है, जिनसे विश्‍वभर में भारी क्षति हो रही है। श्री यादव मिस्र के शर्म-अल-शेख में आयोजित कॉप-27 सम्‍मेलन के दौरान संयुक्‍त राष्‍ट्र महासचिव उच्‍चस्‍तरीय गोलमेज़ बैठक में सर्व कार्यपालक कार्ययोजना के लिए त्‍वरित सचेतक प्रणाली के शुभारंभ के अवसर पर बोल रहे थे। उन्‍होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन के दुष्‍प्रभावों से निपटने के लिए वित्‍तीय अभाव के चलते ऐसी सचेतक प्रणालियों को अपनाने की आवश्‍यकता है, जो लोगों की जान और आजीविका को बचाने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं। उन्‍होंने कहा कि समय रहते सावधान करने वाली प्रणालियां न केवल आपदाओं के भौतिक दुष्‍प्रभावों को सीमित करती हैं, बल्कि दूरगामी सामाजिक, आर्थिक दुष्‍परिणामों की रोकथाम में भी भूमिका निभा सकती हैं। इस क्षेत्र में भारत के प्रयासों पर प्रकाश डालते हुए उन्‍होंने कहा कि भारत ने चक्रवातों के कारण होने वाली मौतों में पिछले 15 वर्ष के दौरान 90 प्रतिशत की कमी आई है और ऐसा समय रहते आपदाओं की चेतावनी संभव होने के कारण हो सका है। उन्‍होंने कहा कि भारत के पूर्वी और पश्चिमी दोनों तटों पर चक्रवातों की सौ प्रतिशत समय पूर्व सूचना मिल जाती है। उन्‍होंने कहा कि पृथ्‍वी पर कर्क और मकर रेखा के बीच पड़ने वाले क्षेत्र और भारत सहित अधिकांश विकासशील देशों में जलवायु चक्र में हो रहे बदलाव से उपजी आपदाओं की आशंका सर्वाधिक रहती है। यादव ने यह भी कहा कि समूचे क्षेत्र में आपदाओं को झेलने की शक्ति कम है, इसलिए प्राकृतिक प्रकोपों के कारण होने वाला आर्थिक नुकसान बढ़ा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 November 2022

 आई ई डी विस्फोट के सिलसिले में दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया

  जम्मू-कश्मीर में सोपोर पुलिस ने किया है गिरफ्तार  केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में सोपोर पुलिस ने  बांदीपोरा जिले के केहनुसा में हाल ही में हुए आई ई डी विस्फोट के सिलसिले में दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। कश्‍मीर के  अपर पुलिस महानिदेशक विजय कुमार ने ट्वीट में कहा कि आतंकवादी इरशाद गनई और वसीम रजा को गिरफ्तार किया गया है। उनके पास से दो रिमोट नियंत्रित विस्‍फोटक और डेटोनेटर भी बरामद किए गए हैं। इस बीच, मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच चल रही है। और ब्‍यौरे की प्रतीक्षा है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 November 2022

 मिस्र में संयुक्‍त राष्‍ट्र जलवायु शिखर सम्‍मेलन

पेरिस समझौते को लागू करने के प्रमुख उद्देश्‍य  मिस्र के शहर शर्म अल-शेख में संयुक्त राष्ट्र जलवायु शिखर सम्मेलन कॉप-27 कल शुरू हुआ। विश्व मौसम विज्ञान संगठन- डब्लूएमओ ने कल एक रिपोर्ट में कहा कि 2015 से पहले के किसी भी वर्ष की तुलना में पिछले आठ वर्षों में पृथ्‍वी अधिक गर्म रही । संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुत्‍रेस ने कहा है कि इस समय कॉप 27 चल रहा है और पृथ्‍वी ग्रह बार-बार संकट की चेतावनी दे रहा है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 19वीं सदी के उत्तरार्ध से पृथ्वी का तापमान एक दशमलव एक डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा। डब्‍लयू एम ओ के महासचिव पेटेरी तालास के अनुसार, वातावरण में कार्बन डाइऑक्साइड के मौजूदा स्तर को देखते हुए अभी यह संभावना नहीं है कि पृथ्‍वी के तापमान में एक दशमलव पांच डिग्री तक की वृद्धि हो सकती है। शिखर सम्मेलन में 120 से अधिक विश्व नेता भाग ले रहे हैं। इस सम्‍मेलन में जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों से निपटने के लिए कार्य नीति पर विचार होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 November 2022

SC ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए दस प्रतिशत आरक्षण जारी रखा

पांच न्यायधीशों  की संविधान पीठ ने तीन दो से सुनाया फैसला  उच्‍चतम न्‍ययालय की पांच न्‍यायाधीशों की संविधान पीठ ने आज तीन-दो के बहुमत से 103 वें संविधान संशोधन की वैधता बरकरार रखी है जिसमें दाखिलों और सरकारी नौकरियों में आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए दस प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान है। न्‍यायाधीश दिनेश माहेश्वरी, न्‍यायाधीश बेला त्रिवेदी और न्‍यायाधीश जेबी पारदीवाला ने अधिनियम के पक्ष में राय दी है जबकि न्यायमूर्ति एस रवींद्र भट ने कानून को भेदभावपूर्ण और बुनियादी ढांचे का उल्लंघन बताते हुए इस पर असहमति व्‍यक्‍त की। प्रधान न्यायाधीश यू यू ललित ने न्यायमूर्ति एस रवींद्र भट की राय का समर्थन किया। न्‍यायमूर्ति त्रिवेदी ने फैसला सुनाया कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को दस प्रतिशत आरक्षण दिए जाने संबंधी कानून भेदभावपूर्ण नहीं है। न्यायमूर्ति माहेश्वरी ने कहा कि आर्थिक मानदंड को ध्यान में रखते हुए आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को आरक्षण देने संबंधी कानून बुनियादी ढांचे या समानता संहिता का उल्लंघन नहीं करता। उनका कहना था कि इस प्रावधान से 50 प्रतिशत से अधिक आरक्षण देने की सीमा के किसी प्रावधान को कोई नुकसान नहीं पहुंचता। जनवरी 2019 में संसद ने 103वें संविधान संशोधन को मंजूरी दी थी और इसे तुरंत ही उच्‍चतम न्‍यायालय में चुनौती दी गई थी। कांग्रेस सहित अधिकांश विपक्षी दलों ने कानून का विरोध नहीं किया, उच्‍चतम न्‍यायालय ने इसके खिलाफ 40 याचिकाओं पर सुनवाई की जिसमें तमिलनाडु भी शामिल है।  याचिकाकर्ताओं ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों को आरक्षण देने संबंधी कानून के कई पहलुओं पर सवाल उठाए थे, जिसमें यह भी शामिल था 1992 में उच्‍चतम न्‍यायालय द्वारा निर्धारित आरक्षण पर 50 प्रतिशत की राष्ट्रीय सीमा को कैसे पार कर सकता है और क्या इसने संविधान के "बुनियादी ढांचे" को बदल दिया है। पहले इस मामले की सुनवाई तीन न्यायाधीशों ने की थी लेकिन बाद में 2019 में इसे पांच-न्यायाधीशों की एक बड़ी पीठ के पास भेज दिया गया। संविधान पीठ ने सितम्‍बर में छह दिन से अधिक समय तक इस मामले की सुनवाई की और अपना फैसला सुरक्षि‍त रखा था ।भारतीय जनता पार्टी ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों को आरक्षण दिए जाने को बराकरार रखने के उच्‍चतम न्‍यायालय के फैसले का स्‍वागत किया है। ट्वीट संदेश में पार्टी महासचिव बी एल संतोष ने कहा कि गरीब कल्‍याण का एक और श्रेय प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को जाता है। उन्‍होंने कहा कि सामाजिक न्‍याय की दिशा में यह एक बड़ा निर्णय है। नई दिल्‍ली में पत्रकारों से बातचीत में भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्‍ता गौरव भाटिया ने उच्‍चतम न्‍यायालय के फैसले के बाद कांग्रेस नेता उदित राज की टिप्‍पणी पर सवाल उठाया। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस को स्‍पष्‍ट करना चाहिए कि क्‍या यह पार्टी का रूख है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 November 2022

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात में प्रचार अभियान की शुरुआत की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मेरे लिए अ का मतलब आदिवासी है   प्रधानमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्‍ठ नेता नरेंद्र मोदी ने आज गुजरात के वलसाड के कपराडा निर्वाचन क्षेत्र के नाना पोंधा गांव में एक जनसभा को संबोधित कर विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के प्रचार अभियान की शुरुआत की। उन्‍होंने कहा है कि गुजरात ने पिछले दो दशकों में हर क्षेत्र में विकास की नई ऊंचाइयां हासिल की हैं और प्रत्येक गुजरातवासी ने राज्य के विकास में योगदान दिया है। पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा सरकार के नेतृत्‍व में पिछले दो दशकों में राज्य के आदिवासियों और मछुआरों के जीवन में बड़ा बदलाव आया है। प्रधानमंत्री ने गुजरात के ग्रामीण इलाकों में सभी घरों में नल से जल की आपूर्ति करने के लिए राज्य की भाजपा सरकार को बधाई दी। वाडी योजना के तहत सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुए श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जहां एक समय आदिवासी क्षेत्रों में बाजरा-मक्का उगाना और खरीदना मुश्किल था, आज वहीं इन क्षेत्रों में आम, अमरूद और नींबू जैसे फलों के साथ काजू की भी खेती की जा रही है।  उन्होंने कहा कि समाज सेवा गुजरात की परंपरा और संस्कृति रही है. हम चाहते हैं कि आदिवासी और अन्य समुदाय एक साथ मिलकर राज्य के विकास के लिए काम करें. हम लगातार राष्ट्र के विकास के लिए गुजरात के विकास के लिए काम कर रहे हैं. मैं भले ही बैठता दिल्ली में हूं, लेकिन मैंने हर चीज गुजरात से ही सीखी है. मेरे बाद गुजरात के मुख्यमंत्री रहे लोगों के कामों को देखिए. उन्होंने गुजरात के लोगों की सेवा करने के लिए दिन-रात एक कर दिए. मैं इस चुनाव में अपना ही रिकार्ड ध्वस्त करने के लिए काम कर रहा हूं. मैं चाहता हूं कि भूपेंद्र नरेंद्र के रिकार्ड को तोड़ भारी मतों से विजयी हों. मैं इसके लिए काम कर रहा हूं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मेरे लिए अ का मतलब आदिवासी है. मेरे लिए यह बेहद सौभाग्य की बात है कि चुनाव की पहली रैली आदिवासी बहनों और भाईयों के आशीर्वाद के साथ शुरू हो रही है. उन्होंने कहा कि पहले एक डॉक्टर की तलाश करनी पड़ती थी, लेकिन आज आदिवासी इलाकों में अस्पताल और मेडिकल कॉलेज हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 November 2022

सरकार ने  60 लाख मीट्रिक टन तक चीनी के निर्यात की अनुमति दी

  2022-23 के दौरान 60 लाख मीट्रिक टन तक चीनी के निर्यात की अनुमति   सरकार ने 2022-23 के दौरान 60 लाख मीट्रिक टन तक चीनी के निर्यात की अनुमति दी है। इसका उद्देश्य देश में चीनी की कीमत में स्थिरता और चीनी मिलों की वित्तीय स्थिति को संतुलित करना है। केंद्र ने घरेलू खपत के लिए लगभग 275 लाख मीट्रिक टन चीनी की उपलब्धता, इथेनॉल उत्पादन के लिए लगभग 50 लाख मीट्रिक टन चीनी और इस साल सितंबर तक लगभग 60 लाख मीट्रिक टन चीनी का समापन शेष रखने को प्राथमिकता दी है। वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि चीनी की शेष मात्रा के निर्यात की अनुमति दी जाएगी। सरकार ने किसानों को जल्द भुगतान करने के लिए मिलों को चीनी का तेजी से निर्यात करने को भी कहा है। 2022-23 के लिए चीनी निर्यात नीति में, देश की सभी चीनी मिलों के लिए निर्यात कोटा तय किया गया है। चीनी सीजन 2021-22 के दौरान, भारत ने 110 लाख मीट्रिक टन चीनी का निर्यात कर दुनिया में चीनी का दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक बन गया था और लगभग 40 हजार करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा अर्जित की थी। वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने बताया कि पिछले महीने की 31 तारीख तक चीनी सीजन 2021-22 के लिए किसानों का 96 प्रतिशत से अधिक गन्ना बकाया चुकाया जा चुका है। चीनी के निर्यात को सीमित करने से इसकी घरेलू कीमतें नियंत्रण में रहेंगी और घरेलू बाजार में बड़े पैमाने पर मुद्रास्फीति नहीं होगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 November 2022

राहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा को मिला समर्थन

राजनीति में यात्राओं का रहा है विशेष महत्व    कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा शुरू की है। राहुल गाँधी  की भारत जोड़ो यात्रा में कई दिल को छू लेने वाले पहलू सामने आये।  एक वक्त ऐसा भी आया जब उन्होंने अपनी माँ सोनिया गाँधी के जूते की लेस बांधी और उनसे आग्रह किया की आप गाडी में बैठ जाएं। यात्रा के दौरान कहीं राहुल बच्चों के साथ बच्चे बनकर दौड़ लगाते नजर आये। तो कहीं बरसात में भीगते हुए उन्होंने भाषण दिया। इस दौरान वे कई बीजेपी नेताओं के निशाने पर भी रहे। लेकिन उनकी भारत जोड़ो यात्रा लगातार आगे बढ़ती रही। कुछ ही दिनों में भारत जोड़ो यात्रा अब मध्यप्रदेश में भी प्रवेश करेगी। पर सवाल यह की क्या भारत जोड़ो यात्रा ने राहुल गाँधी के प्रति लोगों का नजरिया  बदला है। यात्राओं से किन किन पार्टियों को कब कब कितना फायदा हुआ।  क्या राहुल गांधी लोगों को सच में जोड़ने में कामयाब हो रहे हैं   ?   राजनीति में यात्राओं का विशेष महत्व रहा है। राहुल गाँधी की भारत जोड़ो यात्रा  7 सितंबर को कन्याकुमारी से शुरू हुई  है। और ये यात्रा अगले साल कश्मीर में खत्म होगी। यह भारत के इतिहास में किसी भी भारतीय राजनेता की सबसे बड़ी  पैदल यात्रा है। तमिलनाडु में हरी झंडी दिखाने के बाद यात्रा केरल, कर्नाटक ,आंध्र प्रदेश  , महाराष्ट्र और अब मध्यप्रदेश पहुंचेगी।  राहुल गांधी के नेतृत्व में यह यात्रा देश के 12 राज्यों में 3,500 किलोमीटर की दूरी तय करेगी   इसे आने वाले आम चुनाव के पूर्व कांग्रेस की खुद को स्थापित करने व जनसमर्थन की जमीन तैयार करने की कोशिश माना जा रहा है। राहुल गाँधी की  भारत जोड़ो यात्रा को अन्य दलों का भी समर्थन है।  इस यात्रा ने राहुल गाँधी की लोकप्रियता को बढ़ाया है। यात्रा के दौरान राहुल गाँधी हर वर्ग हर व्यक्ति से मिले। फिर चाहे वह पार्टी का कार्यकर्ता हो या आम आदमी। राहुल कहीं बुजुर्गों से आशीर्वाद लेते , तो कहीं बच्चों से दुलार , तो कहीं साथियों के साथ गले मिलते नजर आए। युवाओं के साथ ने राहुल में नया जोश भर दिया है। राहुल को माताओं और बहनों का भी जबरदस्त प्यार मिल रहा है। राहुल जिस सहजता से लोगों से मिल रहे हैं। उसका परिणाम निश्चित तौर पर बेहतर होगा।  कांग्रेस के दिग्गज नेता भी  राहुल गाँधी की यात्रा में शामिल हो रहे है।  एक क्षण ऐसा आया जब राहुल की भारत जोड़ो यात्रा में उनकी माँ सोनिया गांधी पहुंची। जहाँ जूते की लेस खुली देख उन्होंने माँ की जूते की लेस खुद बाँधी। इस पर राजनीती भी हुई.लेकिन राजनीती करने वाले भूल गए की देश में माँ शब्द का बहोत महत्व है। और इसपर राजनीती नहीं होनी चाहिए।  राहुल गाँधी ने सोनिया गांधी को पैदल चलने से रोका। और गाड़ी में बैठने के लिए कहा। लेकिन सोनियां गाँधी राहुल के साथ पैदल चलती रहीं। वक्त ऐसा भी आया जब यात्रा के दौरान कई बार बारिश हुई.लेकिन राहुल की भारत जोड़ो यात्रा रुकी नहीं। हुल ने मूसलाधार बारिश के बीच लोगों को सम्बोधित किया। मैसेज साफ़ था की इस भारत जोड़ो यात्रा को कोई बाधा नहीं रोक सकती।  यात्रा  के दौरान राहुल गांधी बच्चों के साथ बच्चों की तरह पेश हुए। उन्होंने बच्चों के साथ दौड़ लगाईं ,मस्ती  की ,  क्रिकेट खेली और ऑटोग्राफ भी दिया।  जहां जहाँ से यात्रा निकल रही है।  राहुल वहां की संस्कृति और विचारों को जानने और समझने की कोशिश कर रहे हैं।  लोगों से मिलने के साथ सीख भी रहे हैं।  राहुल के माथे पर चूमता यह बच्चा मानों कह  रहा है  की आप आगे बढ़ो ,हम आपके साथ हैं। काली सफ़ेद दाढ़ियों के बीच राहुल गांधी लगातार मुश्किलों को पीछे छोड़ आगे बढ़ते जा रहे हैं। इस दौरान राहुल गांधी भाजपा नेताओं के निशाने पर भी रहे। बीजेपी नेताओं ने भारत जोड़ो यात्रा को लेकर तंज कसे। कांग्रेस पार्टी में लगातार बड़े बड़े नेताओं के पार्टी छोड़ने का सिलसिला चलता रहा। अंदुरुनी कलह ने  कभी पीछा नहीं छोड़ा।  एक के बाद एक कई मुसीबते आईं। लेकिन लक्ष्य एक ही भारत जड़ो। इतनी मुसीबतों और विपरीत परिस्थितियों के बाद भी यात्रा रुकी नहीं।  राहुल गाँधी ने अपने कदम पीछे नहीं लिए। वजह सिर्फ एक  उनको जनता का भरपूर्ण प्यार मिला। जहां भी वे गए लोग उनके साथ जुड़ते गए।  लोगों ने अपना पूरा समर्थन दिया।  राहुल गाँधी ने बीजेपी के सवालों का जवाब भी दिया। और बेरोजगारी , महंगाई , अपराधों और घटनाओं पर सरकारों को घेरा।   आपको बता दें देश में कई राजनीतिक  यात्राएं निकाली गई  हैं। और इन यत्राओं ने लोगों को आकर्षित किया है। राजनेताओं ने यात्रा के जरिये पानी पहचान बनाई। और राजनीति में  मजबूत कदम भी रखा। भारतीय राजनीति में राजनीतिक यात्राओं की अहम भूमिका रही है। बीते चार दशक की बात करें तो राजनीतिक माहौल को प्रभावित करने वाली कई यात्रायें निकाली गई। आंध्र प्रदेश में वर्ष 1982 में एनटी रामाराव ने चैतन्य रथम यात्रा निकाली  75 हजार किलोमीटर लंबी इस यात्रा ने प्रदेश के चार चक्कर लगाए जोकि गिनीज बुक आफ वल्र्ड रिकार्ड में है।  29 मार्च 1982 को नंदमूरी तारक रामाराव ने तेलुगु सम्मान के मुद्दे पर तेलुगुदेशम पार्टी का गठन किया।  और देश की पहली राजनीतिक रथयात्रा शुरू की वर्ष 1990 में भाजपा ने राममंदिर निर्माण आंदोलन को तेज करते हुए पूरे देश में भ्रमण करते हुए अयोध्या तक रथयात्रा की घोषणा की , इस यात्रा के सारथी बने लालकृष्ण आडवाणी। रथयात्रा 25 सितंबर को गुजरात में ख्यात तीर्थस्थल सोमनाथ से शुरू हुई और सैकड़ों शहरों व गांवों से होकर गुजरते हुए बिहार पहुंची।  रथयात्रा के बीच राममंदिर आंदोलन में भारी संख्या में कारसेवक अयोध्या पहुंचे। वर्ष 1991 के लोकसभा चुनावों में भाजपा को 120 सीटें मिलीं जो पिछले चुनाव से सीधे 35 अधिक थीं। भाजपा के तत्कालीन राष्ट्रीय प्रधान मुरली मनोहर जोशी के नेतृत्व में कन्याकुमारी से शुरू हुई यात्रा 24 जनवरी 1991 को  जम्मू पहुंची थी।  करीब एक लाख लोग इसमें शामिल हुए थे।  मकसद  था श्रीनगर के लाल चौक में तिरंगा फहराना  उस यात्रा में जोशी के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उस समय भाजपा के महासचिव थे।  बहरहाल राहुल गाँधी की इस यात्रा को लोगों का समर्थन भी मिल रहा है और प्यार भी। अब ये समय बताएगा यात्रा कितनी सफल होती है। यात्रा कुछ दिनों के बाद मध्य प्रदेश पहुंचेगी।जिसके लिए मध्यप्रदेश कांग्रेस ने तैयारियां शुरू कर  दी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 November 2022

दिल्‍ली नगर निगम चुनाव के लिए मतदान चार दिसम्‍बर को

 वोटों की गिनती सात दिसम्‍बर को होगी दिल्ली नगर निगम-एमसीडी के चुनाव के लिए चार दिसम्बर को मतदान कराया जाएगा। वोटों की गिनती सात दिसम्बर को कराई जाएगी। एमसीडी के लिए मतदान कार्यक्रम की घोषणा करते हुए दिल्ली राज्य चुनाव आयुक्त विजय देव ने कहा कि निगम के दो सौ पचास वार्डों के लिए वोट पड़ेंगे। उन्होंने बताया कि इस महीने की सात तारीख को अधिसूचना जारी की जाएगी और 14 नवम्बर तक पर्चे दाखिल किए जा सकेंगे। 19 नवम्बर तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। उन्होंने बताया कि 42 वार्ड अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित होंगे। इनमें से 21 वार्ड अनुसूचित जाति की महिलाओं के लिए सुरक्षित हैं।  देव ने कहा कि मतदान के लिए इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनें-ईवीएम इस्तेमाल की जाएंगी। मतदान कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही आज से आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है।उन्होंने कहा कि वर्तमान में राष्ट्रीय राजधानी में कुल एक करोड़ 46 लाख 73 हजार से अधिक मतदाता हैं। राज्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि आवश्यक बुनियादी सुविधाओं के साथ तेरह हजार 665 मतदान केंद्र निर्धारित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में एक आदर्श मतदान केंद्र बनाया जाएगा, जबकि एक अन्य मतदान केंद्र राज्य निर्वाचन आयोग की महिला टीमों द्वारा संचालित होगा। राज्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि एमसीडी चुनाव में प्रत्येक उम्मीदवार के लिए खर्च की अधिकतम सीमा पौने छह लाख रुपये से बढ़ा कर आठ लाख रुपये कर दी गई है। मतदान का समय सुबह आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 November 2022

यूरोप का तापमान पिछले तीन दशक में वैश्विक औसत से दुगने से अधिक बढ़ गया है

संयुक्‍त राष्‍ट्र के 27वें जलवायु परिवर्तन सम्‍मेलन से पहले जारी की गई रिपोर्ट    संयुक्‍त राष्‍ट्र ने कहा है कि यूरोप का तापमान पिछले तीन दशक में वैश्विक औसत से दुगने से अधिक बढ़ गया है। किसी महाद्वीप में यह सबसे तेज गति से बढ़ा तापमान है। संयुक्‍त राष्‍ट्र विश्‍व मौसम विज्ञान संगठन और यूरोपीय संघ के कॉपरनिकस जलवायु परिवर्तन सेवा ने एक संयुक्‍त रिपोर्ट में बताया है कि यूरोपीय क्षेत्र में वर्ष 1991 के बाद से तापमान में प्रत्‍येक दशक में शून्‍य दशमलव पांच डिग्री सेल्सियस की बढोतरी हुई है। इसके कारण एल्‍पाइन गलेशियर में बर्फ की मोटाई में वर्ष 1997 से वर्ष दो हजार 21 के बीच तीस मीटर की कमी आई है। रिपोर्ट के अनुसार, ग्रीनलैंड में बर्फ की चादर तेजी से पिंघल रही है, जिसके कारण समुद्री सतह में बढोतरी हो रही है। यूरोप में बढ़ते तापमान पर यह रिपोर्ट रविवार को मिस्र में शुरू हो रहे संयुक्‍त राष्‍ट्र के 27वें जलवायु परिवर्तन सम्‍मेलन से पहले जारी की गई है। इस रिपोर्ट में अनेक यूरोपीय देशों ने ग्रीन हाउस गैस उत्‍सर्जन में सफलतापूर्वक कमी लाने का भी उल्‍लेख है।  रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पूरी दुनिया में यूरोप पर ग्लोबल वॉर्मिंग का सर्वाधिक असर हुआ है. वर्ल्ड मीटियोरोलॉजिकल ऑर्गनाइजेशन की ओर से जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले तीन दशक में यूरोप दुनिया में अन्य किसी भी हिस्से से सर्वाधिक गर्म हुआ है. यह रफ्तार दोगुने तौर पर है. रिपोर्ट में दावा किया गया है कि महाद्वीप का तापमान तेजी से बढ़ रहा है. इसके कारण भयंकर गर्मी, जंगलों में आग, बाढ़ और अन्य प्राकृतिक आपदाओं की संख्या बढ़ रही है. यह बातें द स्टेट ऑफ द क्लाइमेट इन यूरोप रिपोर्ट का हिस्सा हैं. इसे संयुक्त रूप से यूरोपीय संघ की कॉपरनिकस क्लाइमेट चेंज सर्विस के साथ मिलकर तैयार किया गया है.जलवायु परिवर्तन पर जारी की गई इस रिपोर्ट में कहा गया है कि यूरोप में ग्लोबल वॉर्मिंग के कारण भयंकर गर्मी पड़ेगी. इसके कारण ही ब्रिटेन में भीषण लू भी चली थी. ऐसा आगे भी देखने को मिल सकता है. साथ ही अल्पाइन ग्लेयिशयर्स का पिघलना तेज हो सकता है. जलवायु परिवर्तन के कारण भूमध्य सागर का पानी भी गर्म हो रहा है. विशेषज्ञ और सेक्रेटरी जनरल प्रोफेसर पेटरी तलास का कहना है कि दुनिया के गर्म होने के संबंध में यूरोप एक जीती जागती तस्वीर पेश करता है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 November 2022

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार  पांच सौ 31 अरब डॉलर से अधिक हुआ

  अंतरराष्‍ट्रीय मुद्राकोष में भारत का सुरक्षित भंडार चार करोड़ अस्‍सी लाख डॉलर बढ़ा   रिजर्व बैंक ने कहा है कि भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 28 अक्‍तूबर को समाप्‍त हुए सप्‍ताह में छह अरब छप्‍पन करोड दस लाख डॉलर बढ़कर, पांच खरब 31 अरब आठ करोड़ दस लाख डॉलर हो गया है। इसी अवधि में विदेशी मुद्रा परिसम्‍पत्ति में भी पांच अरब 77 करोड़ बीस लाख डॉलर की वृद्धि हुई है और यह चार खरब 70 अरब 84 करोड 70 लाख तक पहुंच गया है। देश के स्‍वर्ण भंडार की कीमत में पचपन करोड़ साठ लाख की वृद्धि हुई है और यह बढ़कर 37 अरब 76 करोड़ बीस लाख डॉलर हो गया है। विशेष आहरण अधिकार में भी आठ करोड पचास लाख डॉलर की बढोतरी हुई है और यह बढ़कर 17 अरब 62 करोड पचास लाख डॉलर हो गया है। अंतरराष्‍ट्रीय मुद्राकोष में भारत का सुरक्षित भंडार भी चार करोड़ अस्‍सी लाख डॉलर बढ़ा है और यह 4 अरब 84 करोड 70 लाख अमरीकी डॉलर हो गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 November 2022

महाराष्‍ट्र में 225 परियोजनाओं के लिए दो लाख करोड़ रूपये की केन्‍द्र की मंजूरी

र्स्‍टाट-अप्‍स और एमएसएमई क्षेत्र की भी बड़े पैमाने पर सहायता  प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि केन्‍द्र सरकार ने महाराष्‍ट्र में करीब 225 परियोजनाओं के लिए दो लाख करोड़ रूपये मंजूर किये हैं। महाराष्‍ट्र सरकार के रोजगार मेले को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए दिये गये संदेश में प्रधानमंत्री ने यह बात दोहराई कि देश अमृत काल के दौरान में भारत को विकसित राष्‍ट्र बनाने के लक्ष्‍य की दिशा में काम कर रहा है। उन्‍होंने कहा कि बदलते समय के साथ रोजगार के स्‍वरूप में भी तेजी से बदलाव हो रहा है। उन्‍होंने कहा कि सरकार भी इसके अनुरूप विभिन्‍न प्रकार के कार्यों के लिए निरंतर नए अवसर पैदा कर रही है। उन्‍होंने कहा कि मुद्रा योजना के अन्‍तर्गत युवाओं को बिना किसी धरोहर के ऋण दिये जा रहे हैं और अभी तक इसके अन्‍तर्गत 20 लाख करोड़ रूपये के ऋण वितरित किये जा चुके हैं। उन्‍होंने कहा कि इसी तरह र्स्‍टाट-अप्‍स और एमएसएमई क्षेत्र की भी बड़े पैमाने पर सहायता की जा रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सबसे महत्‍वपूर्ण बात यह है कि सरकार इन रोजगार और स्‍वरोजगार के अवसरों का लाभ दलित -पिछड़े, जनजातीय, सामान्‍य श्रेणी और महिलाओं सभी को समान रूप से पहुंचा रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि स्‍वयं सहायता समूहों से जुड़ी आठ करोड़ महिलाओं को पांच लाख करोड़ रूपये की सहायता उपलब्‍ध करायी गयी है। प्रधानमंत्री ने कम समय में रोजगार मेला आयोजित करने के लिए महाराष्‍ट्र सरकार के प्रयासों की सराहना की। उन्‍होंने कहा कि इससे पता चलता है कि महाराष्‍ट्र सरकार युवाओं को रोजगार मुहैया कराने के लिए मजबूत संकल्‍प के साथ काम कर रही है।  मोदी ने कहा कि महाराष्‍ट्र के गृह विभाग और ग्रामीण विकास विभाग में हजारों नियुक्तियां की जायेंगी। प्रधानमंत्री ने बताया कि केन्‍द्र सरकार ने राज्‍य में करीब सवा दो सौ परियोजनाओं के लिए दो लाख करोड़ रूपये से अधिक मंजूर किये हैं। उन्‍होंने बताया कि 75 हजार करोड़ रूपये लागत की रेलवे परियोजनाएं और पचास करोड़ रूपये लागत की आधुनिक सड़क परियोजनाएं मंजूर की गई हैं। इस बीच नाशिक डिविजन के रोजगार मेले के पहले चरण में आज कुल 456 योग्‍य उम्‍मीदवारों को नियुक्ति प्रस्‍ताव सौंपे गए। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 November 2022

इस्राइल में पूर्व प्रधानमंत्री वेन्यामिन नेतन्याहू की सत्ता में हुई वापसी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जीत पर बधाई दी इस्राइल में पूर्व प्रधानमंत्री बेन्‍यामिन नेतन्‍याहू ने सत्‍ता में वापसी की है। उनकी दक्षिणपंथी लिकुड पार्टी और सहयोगी दलों ने मंगलवार को हुए संसदीय चुनाव में जीत हासिल की। कल घोषित अंतिम परिणामों के अनुसार लिकुड पार्टी को एक सौ 20 सदस्‍यों की संसद में 32 सीटें और गठबंधन को 64 सीटें मिलीं हैं। वर्तमान प्रधानमंत्री यायर लपिद की पार्टी को 24 सीटें और उनके गठबंधन को 51 सीटें मिली है। पिछले चार वर्ष से भी कम समय में इस्राइल में यह पांचवां संसदीय चुनाव था। 73 वर्षीय बेन्‍यामिन नेतन्‍याहू पिछले 15 वर्ष में पांच बार प्रधानमंत्री चुने गये हैं।प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने इस्राइल के आम चुनाव में बेन्‍यामिन नेतन्‍याहू को उनकी सफलता पर बधाई दी है।  मोदी ने कहा कि उन्‍हें भारत-इस्राइल रणनीतिक साझेदारी और मजबूत करने के संयुक्‍त प्रयास जारी रहने की आशा है।  मोदी ने इस्राइल के प्रधानमंत्री यायर लपिद को भी भारत-इस्राइल रणनीतिक साझेदारी को प्राथमिकता देने के लिए धन्‍यवाद दिया। श्री मोदी ने इस संदेश को हिब्रू भाषा में भी ट्वीट किया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 November 2022

दिल्ली वायु गुणवत्ता में सुधार के लिए ट्रकों के प्रवेश और निर्माण कार्यों पर रोक

  वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में लगाई रोक  राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु गुणवत्‍ता में लगातार गिरावट की रोकथाम के लिये वायु गुणवत्‍ता प्रबंधन आयोग ने अनेक उपाय किए हैं। डीजल से चलने वाले चौपहिया हल्के वाहनों के परिचालन पर रोक लगा दी गई है। लेकिन बीएस-VI के साथ आवश्‍यक और आपात सेवा वाहनों के परिचालन की अनुमति रहेगी। राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र में केवल बैटरी या सीएनजी से चलने वाले और आवश्‍यक वस्‍तुएं ला रहे ट्रकों को प्रवेश की अनुमति दी गई है। आयोग ने राजमार्ग, फ्लाईओवर, बिजली पारेषण और पाइपलाइन परियोजनाओं से संबंधित निर्माण कार्य रोके जाने का निर्देश दिया है। एनसीआर में स्‍वच्‍छ ईंधन से नहीं चलने वाले सभी उद्योग बंद रखे जायेंगे। हालांकि दूध और डेयरी यूनिट तथा जीवन रक्षक चिकित्‍सा उपकरण और औषधि निर्माण में लगी इकाइयों को इस प्रतिबंध से छूट दी गई है। राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु गुणवत्‍ता बनाये रखने के उपायों के बारे में कल आपात बैठक के बाद ये आदेश जारी किए गये। दिल्‍ली सरकार और राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र की राज्‍य सरकारों को सरकारी, नगर पालिका और निजी कार्यालयों के 50 प्रतिशत क्षमता के साथ काम करने और शेष कर्मचारियों के लिये वर्क फ्रॉम होम की अनुमति देने के बारे में निर्णय लेने को कहा गया है।  बच्चों, वरिष्ठ जन तथा सांस, हृदय और मस्तिष्क रोगों से ग्रस्त लोगों को बाहर निकलने से बचने और जहां तक संभव हो घर में ही रहने की सलाह दी गयी है। दिल्ली की वायु गुणवत्ता में, खराब और बहुत खराब श्रेणी से, कल तक सुधार की उम्मीद नहीं है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 November 2022

लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी मोहम्मद आरिफ उर्फ अशफाक की फांसी बरक़रार

पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट ने सिरे से खारिज की  साल 2000 में लाल किले पर हमले के मामले में दोषी लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी मोहम्मद आरिफ उर्फ अशफाक की सुप्रीम कोर्ट ने फांसी की सजा को बरकरार रखा है।सुप्रीम कोर्ट ने 2015 में याकूब मेमन और आरिफ की याचिका पर ही ऐतिहासिक फैसला दिया था कि फांसी की सजा पाए दोषियों की पुनर्विचार याचिका ओपन कोर्ट में सुनी जानी चाहिए। गौरतलब है कि पहले पुनर्विचार याचिका की सुनवाई जज अपने चैम्बर में करते थे। अब यह देश में पहला ऐसा केस हैं, जिसमें फांसी की सजा पाए किसी दोषी की पुनर्विचार याचिका और क्यूरेटिव याचिका खारिज होने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने पुनर्विचार याचिका पर दोबारा सुनवाई की।  मोहम्मद आरिफ की पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट ने सिरे से खारिज कर दी है।लाल किले पर आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने 22 दिसंबर 2000 को आतंकवादी हमला किया था। इस हमले में दो जवानों सहित तीन लोग मारे गए थे। सेना की जवाबी कार्रवाई में दो आतंकवादी भी मारे गए थे। लाल किला हमले के मामले में 31 अक्टूबर 2005 को निचली अदालत ने आरिफ को दोषी मानते हुए फांसी की सजा सुनाई थी, जिस पर पुनर्विचार के लिए आरिफ ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी।  2013 में सुप्रीम कोर्ट ने आरिफ की फांसी की सजा को बरकरार रखते हुए पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी थी। 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने आरिफ की क्यूरेटिव याचिका भी खारिज कर दी थी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 November 2022

गुजरात में 1 से 5 दिसंबर को चुनाव , 8 को मतगणना

  गुजरात विधानसभा चुनाव में 4.6 लाख नए वोटर अपने मत का प्रयोग करेंगे   गुजरात में विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा हो गई है। विधानसभा चुनाव 1 और 5 दिसंबर को होंगे और 8 दिसंबर को मतगणना होगी। चुनाव आयोग ने चीफ इलेक्शन कमिश्नर राजीव कुमार ने  कहा कि मतदान के बेहतर अनुभव के लिए, 1274 मतदान केंद्रों का प्रबंधन पूरी तरह से महिला और सुरक्षा कर्मचारियों द्वारा किया जाएगा। 182 मतदान केंद्रो पर मतदाताओं का लोक निर्माण विभाग स्वागत करेगा। पहली बार 33 मतदान केंद्रों की स्थापना और प्रबंधन सबसे कम उम्र के मतदान कर्मचारी करेंगे। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में निर्वाचन आयोग की तरफ से मोरबी की दुखद घटना से प्रभावित सभी लोगों और शोकाकुल परिजनों के प्रति शोक और संवेदना प्रकट किया और कहा कि हम प्रार्थना करते हैं कि मृतकों की आत्मा को शांति मिले। मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि इस बार गुजरात विधानसभा चुनाव में 4.6 लाख नए वोटर अपने मत का प्रयोग करेंगे। उन्होंने जानकारी दी कि दिव्यांगों के लिए विशेष पोलिंग बूथ की व्यवस्था की गई है, राज्य में सभी पोलिंग बूथ ग्राउंड फ्लोर पर ही रहेंगे। चुनाव आयोग ने एक बड़ा ऐलान कर कहा कि इस बार के गुजरात चुनाव में किसी भी मतदाता द्वारा शिकायत करने पर 100 मिनट में जवाब दिया जाएगा। सी-विजिल एप पर वोटर शिकायत कर सकते हैं। आपको बता दें राज्य में बीते 27 साल से भाजपा की सरकार है। गुजरात विधानसभा की 182 सीट के लिए चुनाव दिसंबर तक होने वाले हैं। और इसके लिए चुनाव आयोग लंबे समय से तैयारियों में जुटा हुआ है। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 99 सीट जीतकर सरकार बनाई गिराई थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 November 2022

भ्रष्टाचार के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का समय आ गया

भ्रष्टाचार के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का समय आ गया एक वि‍कसित राष्‍ट्र के लिए भ्रष्‍टाचार मुक्‍त भारत ,मैंने बहुत गालियां सुनी : पीएम मोदी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार एक बहुत बड़ी बुराई है और देश को इससे दूर रखना होगा। नई दिल्ली में केन्द्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के सतर्कता जागरुकता सप्ताह कार्यक्रम को संबोधित करते हुए  मोदी ने कहा कि भ्रष्‍टाचार के खिलाफ एनडीए सरकार की तरह हर सरकारी विभाग में इच्छा शक्ति दिखनी चाहिए। उन्‍होंने उल्‍लेख किया कि विश्‍वास और दृढ संकल्‍प विकसित राष्‍ट्र बनाने की कुंजी हैं। इस वर्ष 31 अक्‍टूबर से 6 नवम्‍बर तक मनाये जाने वाले सतर्कता जागरूकता सप्‍ताह का विषय है- एक वि‍कसित राष्‍ट्र के लिए भ्रष्‍टाचार मुक्‍त भारत। मोदी ने केन्द्रीय सतर्कता आयोग के नये शिकायत निवारण पोर्टल का शुभारंभ किया। इस पोर्टल के माध्‍यम से लोग अपनी शिकायत के बारे में हुई प्रगति की जानकारी प्राप्‍त कर सकेंगे।  प्रधानमंत्री ने केन्द्रीय सतर्कता आयोग द्वारा आयोजित सर्तकता जागरूकता सप्‍ताह के इस वर्ष के विषय पर राष्ट्रव्यापी निबंध प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ निबंध लिखने वाले पांच विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्‍यमंत्री डॉक्‍टर जितेन्‍द्र सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में पिछले वर्षों में कई प्रशासनिक सुधार किये गये हैं। उन्‍होंने कहा कि न्‍यूनतम सरकार और अधिकतम शासन की परिकल्‍पना के साथ आगे बढते हुए कई नियमों और प्रक्रियाओं को सरल बनाया गया है और अप्रासंगिक नियमों को हटाया गया है। उन्‍होंने कहा कि सरकार का उद्देश्‍य भ्रष्‍टाचार मुक्‍त समाज का निर्माण करना है और इस दिशा में हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को केंद्रीय सतर्कता आयोग द्वारा आयोजित सतर्कता जागरूकता सप्ताह कार्यक्रम में शामिल हुए. यहां उन्होंने CVC के नये शिकायत प्रबंधन प्रणाली पोर्टल का शुभारंभ किया. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हम बीते 8 वर्षों से अभाव और दबाव से बनी व्यवस्था को बदलने की कोशिश कर रहे हैं. यही नहीं डिमांड और सप्लाई के गैप को भरने का प्रयास कर रहे हैं. इसके लिए हमने तीन रास्ते चुने हैं. एक आधुनिक तकनीक का रास्ता है, दूसरा मूल सुविधाओं के सैचुरेशन का लक्ष्य है और तीसरा आत्मनिर्भरता का रास्ता है.CVC की सतर्कता जागरूकता सप्ताह कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आगे पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज हम डिफेंस सेक्टर में आत्मनिर्भरता के लिए जो जोर लगा रहे हैं उससे घोटालों का स्कोप भी समाप्त हो चुका है. राइफल से लेकर फाइटर जेट्स और ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट तक आज भार खुद बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहा है. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि भ्रष्टाचार के विरुद्ध काम करने वाले CVC और बाकी संगठनों को रक्षात्मक होने की ज़रूरत नहीं है. मैं लंबे अरसे से इस व्यवस्था से निकला हूं, लंबे अरसे तक सरकार के प्रमुख के रूप में काम करने का मौका मिला, मैंने बहुत गालियां सुनी है, बहुत आरोप सुना है,मेरे लिए कुछ नहीं बचा है.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘सतर्कता जागरूकता सप्ताह' कार्यक्रम में कहा कि भ्रष्टाचार एक ऐसी बुराई है, जिससे हमें दूर ही रहना चाहिए. हम ‘अभाव' और ‘दबाव' द्वारा बनायी गयी व्यवस्था को पिछले आठ साल से बदलने की कोशिश कर रहे हैं. विकसित भारत के लिए प्रशासनिक पारिस्थितिकी तंत्र में भ्रष्टाचार को कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति की आवश्यकता है. कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने भ्रष्टाचार विरोधी प्रयासों के लिए सरकारी विभागों को रैंकिंग देने का सुझाव दिया. 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 November 2022

होलोंगी ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे का नाम डोनी पोलो हवाई अड्डा करने की मंजूरी

  पीएम मोदी की अध्यक्षता में दी गई मंजूरी ये नाम राज्य की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और परम्पराओ के प्रतीक के रूप में डोनी यानी सूर्य और पोलो यानी चंद्रमा में लोगों की आस्था दर्शाता है। जनवरी 2019 में केंद्र सरकार ने होलोंगी ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे को विकसित करने की मंजूरी दी थी। यह परियोजना भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार की सहायता से 6 सौ 46 करोड़ रुपये की लागत से विकसित कर रहा है। एक आधिकारिक विज्ञप्ति में बताया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल ने ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे के नामकरण को 'डोनी पोलो एयरपोर्ट, ईटानगर' के रूप में मंजूरी दे दी है। मालूम हो कि इस हवाई अड्डे के नाम को अरुणाचल प्रदेश सरकार ने 'डोनी पोलो एयरपोर्ट, ईटानगर' रखने के प्रस्ताव को पहले ही पारित कर दिया था।सरकार द्वारा जारी विज्ञप्ति के मुताबिक, नवनिर्मित ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे का यह नाम राज्य की परंपराओं और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का प्रतीक सूर्य (डोनी) और चंद्रमा (पोलो) के प्रति लोगों की अटूट श्रद्धा को दर्शाता है। मालूम हो कि केंद्र सरकार ने जनवरी 2019 में हवाई अड्डे के विकास के लिए अपनी मंजूरी दी थी। नागरिक उड्डयन मंत्रालय की वेबसाइट पर मौजूद आंकड़ों के मुताबिक देश में कुल 131 परिचालन हवाईअड्डे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 November 2022

भारत की संयुक्त राष्ट्र की मध्‍यस्‍थता वाली ब्लैक सी ग्रेन पहल के स्‍थगन पर चिंता

निर्यात ने गेहूं और अन्य वस्तुओं की कीमतों को कम करने में योगदान दिया   भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में संयुक्त राष्ट्र की मध्‍यस्‍थता वाली ब्लैक सी ग्रेन पहल के स्‍थगन को लेकर चिंता जताई है। भारत ने कहा है कि इस कदम से दुनिया, विशेष रूप से दक्षिण के सामने खाद्य सुरक्षा, ईंधन और उर्वरक आपूर्ति की चुनौतियां बढ़ने की संभावना है। यूक्रेन पर परिषद की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की ब्रीफिंग डिबेट में, संगठन  में भारत के स्थायी मिशन के काउंसलर मधु सूदन ने कहा कि काला सागर अनाज सौदे ने यूक्रेन में शांति के लिए आशा की किरण प्रदान की थी और गेहूं तथा अन्‍य वस्‍तुओं  की कीमतों को कम करने में योगदान करने में मदद की थी। भारतीय राजनयिक ने कहा कि इस पहल के परिणामस्वरूप यूक्रेन से 90 लाख टन से अधिक अनाज और अन्य खाद्य उत्पादों का निर्यात हुआ है। उनका मानना ​​​​है कि निर्यात ने गेहूं और अन्य वस्तुओं की कीमतों को कम करने में योगदान दिया है, जो खाद्य कृषि संगठन के खाद्य मूल्य सूचकांक में गिरावट से स्पष्ट है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 November 2022

ED  ने अवैध खनन मामले में झारखंड के सीएम को कल पूछताछ के लिए बुलाया

  प्रवर्तन निदेशालय के दफ्तर की सुरक्षा बढ़ाने का आग्रह   प्रवर्तन निदेशालय ने अवैध खनन के मामले की जांच के सिलसिले में झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन को कल पूछताछ के लिए बुलाया है। सूत्रों के अनुसार केन्‍द्रीय जांच एजेंसी ने मुख्‍यमंत्री को साढ़े ग्‍यारह बजे रांची स्थित उसके कार्यालय में उपस्थित होने को कहा है। निदेशालय ने पुलिस  महानिदेशक और केन्‍द्रीय रिजर्व पुलिस बल से प्रवर्तन निदेशालय के दफ्तर की सुरक्षा बढ़ाने का भी आग्रह किया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 November 2022

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरकार ने पूंजी निवेश के लिए प्रोत्‍साहन दिया

 निवेशकों के लिए उदार नीति बनाई और देश में पूंजी निवेश के लिए प्रोत्‍साहन दिया है   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि महामारी के बाद दुनिया भारत को उम्‍मीद भरी नजर से देख रही है, क्‍योंकि भारत निवेशकों को विकास का द्वार प्रदान करता है। मोदी ने आज वीडियो कॉफ्रेंस के जरिए कर्नाटक में राज्‍य के वैश्विक निवेशक सम्‍मेलन-इनवेस्‍ट कर्नाटक 2022 के उद्घाटन समारोह को सम्‍बोधित किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में निवेश का मतलब बेहतर, स्वच्छ और पृथ्‍वी को सुरक्षित बनाये रखने के लिए लोकतंत्र और समावेशिता में निवेश करना है।प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि सरकार का विशेष ध्‍यान सही सोच के साथ नीतिगत स्‍तर की बाधाओं को खत्‍म करना है। उन्‍होंने कहा कि सरकार ने निवेशकों को लालफीता शाही से मुक्‍त किया और रेड कार्पेट के साथ उनको अवसर दिये।  मोदी ने कहा कि सरकार ने कानूनों को युक्तिसंगत बनाने, नियमों और विनियमों को कारगर बनाने के लिए कई अहम फैसले लिए हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि अलग-अलग बंटी दुनिया के बावजूद मजबूत लोकतांत्रिक ढांचें की वजह से दुनिया में भारत का भविष्‍य उज्‍जवल है। प्रधानमंत्री ने कहा कि केवल सुधार ही नहीं बल्कि अवसंरचना के मामले में नये भारत की प्रगति अनुपम है। राष्‍ट्रीय माल परिवहन नीति और गतिशक्ति योजना को सफलतापूर्वक लागू करने का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि भारत आज पूरी दुनिया के लिए उत्‍पादन करने के लिए तैयार है।मोदी ने कहा कि सरकार युवाओं के अवसरों को सीमित करने की बजाय उन्‍हें नये अवसर प्रदान करने के लिए अनुकूल माहौल बना रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार रक्षा, ड्रोन, अंतरिक्ष और भू-स्‍थानिक मानत्रित्र जैसे क्षेत्रों में निजी निवेशकों को प्रोत्‍साहन दिया है। इससे पहले इनके लिए अवसर बंद थे। श्री मोदी ने कहा कि पिछले वर्ष भारत को करीब 84 अरब डॉलर का रिकॉर्ड प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश प्राप्‍त हुआ और इसी वजह से विभिन्‍न तरह के सुधार कर पाये, जिनका उद्देश्‍य कारोबार करना सुगम बनाना है।  मोदी ने कहा कि भारत ही ऐसा स्‍थान है जहां संस्‍कृति और प्रौद्योगिकी दोनों साथ-साथ काम करती हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रतिस्‍पर्धा और संघवाद की भावना से प्रेरित होकर सभी राज्‍यों ने मजबूत निवेश नीतियां बनाई और बुनियादी ढांचा तैयार किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि केन्‍द्र और कर्नाटक में डबल इंजन की सरकार से बैंगलुरू का तेजी से विकास होगा। उन्‍होंने कारोबार को सुगम बनाने में शीर्ष स्‍थान पर रहने और विदेशी प्रत्‍यक्ष निवेश आकर्षित करने के लिए कर्नाटक की सराहना की।उन्‍होंने जानकारी दी कि एक सौ यूनीकॉर्न में से 40 कर्नाटक के हैं। मोदी ने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि वैश्चिक निवेश सम्‍मेलन से कर्नाटक को लाखों-करोड़ों का निवेश प्राप्‍त होगा। सम्‍मेलन का उद्देश्‍य सम्‍भावित निवेशकों को आकर्षित करना और अगले दशक के लिए विकास का एजेंडा तय करना है। सम्‍मेलन चार नवम्‍बर तक चलेगा। इसमें, अस्‍सी से अधिक वक्‍ता हिस्‍सा लेंगे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 November 2022

बंगलादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को मिला सम्मान

  पूर्व सीनेटर एडवर्ड एम केनेडी को फ्रेंड्स ऑफ लिबरेशन वॉर पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया     बंगलादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कल ढाका में अमरीका के पूर्व सीनेटर एडवर्ड एम केनेडी को मरणोपरान्‍त प्रतिष्ठित फ्रेंड्स ऑफ लिबरेशन वॉर पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया।  केनेडी ने बंगलादेश मुक्ति संग्राम में महत्‍वपूर्ण योगदान दिया था। यह सम्‍मान उनके पुत्र एडवर्ड एम टेड केनेडी जूनियर ने ग्रहण किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री शेख हसीना ने एडवर्ड केनेडी के महान योगदान को याद करते हुए कहा कि केनेडी सीनियर ने 1971 के मुक्ति संग्राम के दौरान अमरीका सरकार की भूमिका के बावजूद निर्दोष बंगाली लोगों के नर‍संहार के खिलाफ कडा रूख अपनाया था। उन्‍होंने यह भी कहा कि सीनियर केनेडी ने पाकिस्‍तान को हथियारों की आपूर्ति करने की अमरीका सरकार की नीति का भी विरोध किया था। उन्‍होंने युद्ध समाप्‍त होने तक पाकिस्‍तान को सैन्‍य और आर्थिक सहायता पर रोक लगाने के लिए कडी मेहनत की थी। हसीना ने याद किया कि केनेडी पश्चिम बंगाल में शरणार्थी शिविरों में गये थे, जहां तत्‍कालीन पूर्वी पाकिस्‍तान के लोग बडी संख्‍या में पाकिस्‍तानी सेना के अत्‍याचार से बचने के लिए भाग गये थे। इससे पहले केनेडी जूनियर ने रविवार को ढाका में प्रधानमंत्री शेख हसीना से उनके सरकारी निवास पर अपने परिवार के साथ मुलाकात की। टेड केनेडी जूनियर इस समय बंगलादेश की सात दिन की यात्रा पर हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 November 2022

सरदार पटेल की व्‍यवहारिक नीति और दृढसंकल्‍प ने रजवाड़ों का स्‍वतंत्र भारत में विलय किया

अनुराग सिंह ठाकुर : सरदार पटेल ने राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई     सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा है कि लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल के दृढ़ संकल्प के कारण ही आज आधुनिक भारत समूचे विश्व के सामने गर्व से खड़ा है। ठाकुर सक्षम भारत, सशक्त भारत विषय पर वार्षिक सरदार पटेल स्मारक व्याख्यान दे रहे थे। उन्होंने सरदार पटेल को नमन करते हुए उन्हें आधुनिक भारत का वास्तुकार बताया। उन्होंने कहा कि सरदार पटेल की व्यावहारिक नीति और दृढ़ संकल्प ने पांच सौ रजवाड़ों का स्वतंत्र भारत के साथ विलय सुनिश्चित किया।  ठाकुर ने कहा कि राष्ट्रीय एकता की अवधारणा के साथ सरदार पटेल के प्रयासों का बार-बार उल्लेख होता है। वे देश के पहले सूचना और प्रसारण मंत्री भी थे। ठाकुर ने कहा कि राष्ट्रीय एकता में प्रसार भारती की भूमिका में सरदार पटेल की दृष्टि ही परिलक्षित होती है। उन्होंने कहा कि लौह पुरुष का मानना था कि रेडियो राष्ट्रीय एकता की धुरी है। ठाकुर ने कहा कि सरदार पटेल ने राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, देश के प्रत्येक नागरिक को सशक्त बनाना उनका सपना था। ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ओजस्वी नेतृत्व में गरीब और वंचित समुदाय के उत्थान के लिए अनेक उपाय किए गए हैं। आज देश में चहुंमुखी विकास हो रहा है।  ठाकुर ने कहा कि वोकल फॉर लोकल के मंत्र ने आत्मनिर्भर भारत के निश्चय को मजबूती दी है। चाहे सड़क हो या रेल, विमानन हो या जहाजरानी, भारत अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी के साथ विस्तार कर रहा है और समूचे विश्व के समक्ष आदर्श के रूप में अपनी क्षमताएं प्रदर्शित कर रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 November 2022

पीएम मोदी ने एक उच्‍चस्‍तरीय बैठक  मोरबी की स्थिति की समीक्षा की

  प्रधानमंत्री ने बांसवाड़ा में स्वतंत्रता संग्राम के आदिवासी नायकों और शहीदों के बलिदान को नमन किया प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कल मोरबी की स्थिति पर उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की। मोरबी में रविवार शाम झूला पुल गिरने से हादसा हुआ था। प्रधानमंत्री को मोरबी में इस दुर्घटना के बाद चलाए जा रहे राहत और बचाव कार्यों की जानकारी दी गई। कल शाम गांधीनगर में राजभवन में हुई बैठक में इस त्रासदी से जुड़े सभी पहलुओं पर चर्चा हुई। मोदी ने पीड़ित लोगों के लिये हरसंभव सहायता सुनिश्चित करने पर जोर दिया। बैठक में गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र भाई पटेल और उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी उपस्थित थे। प्रधानमंत्री आज मोरबी का दौरा करेंगे। राज्य सरकार ने दुर्घटना में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देने के लिए एक दिन का शोक घोषित किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के मानगढ़ में स्वतंत्रता संग्राम के गुमनाम आदिवासी नायकों और शहीदों के बलिदान को नमन किया। उन्होंने भील स्वतंत्रता सेनानी गोविंद गुरु को श्रद्धांजलि दी।   स्वतंत्रता संग्राम के आदिवासी नायकों और शहीदों के बलिदान को नमन   मोदी ने 'मानगढ़ धाम की गौरव गाथा' कार्यक्रम में भाग लिया और भील आदिवासियों तथा क्षेत्र के अन्य आदिवासियों की जनसभा को संबोधित किया।  मोदी ने कहा कि गोविंद गुरु जैसे महान स्वतंत्रता सेनानी भारत की परंपराओं और आदर्शों के प्रतिनिधि थे। उन्‍होंने कहा कि भारत का अतीत, वर्तमान और भविष्य आदिवासी समुदाय के बिना पूरा नहीं होता। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास के पन्ने आदिवासी लोगों की वीरता से भरे पड़े हैं, लेकिन आजादी के बाद के इतिहास में आदिवासी समुदाय के संघर्ष और बलिदान को उचित स्थान नहीं मिला। मोदी ने कहा कि देश आज दशकों पुरानी भूल सुधार रहा है। उन्‍होंने कहा कि 15 नवम्‍बर को भगवान बिरसा मुंडा की जयंती पर जनजातीय गौरव दिवस मनाया जायेगा। उन्होंने आदिवासी समुदायों के कल्याण के लिए सरकार की पहलों का जिक्र भी किया। इस कार्यक्रम का आयोजन संस्कृति मंत्रालय ने किया। कार्यक्रम में राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात के मुख्यमंत्री शामिल हुए।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 November 2022

उग्रवादी संगठन उल्‍फा से एक विकसित और समृद्ध असम के लिए शांति वार्ता की अपील

  तीन सौ 18 उग्रवादियों को आज गुवाहाटी में डेढ-डेढ लाख रूपये के चैक सौंपे   असम के मुख्यमंत्री डॉक्टर हिमंता बिस्व सरमा ने हथियार छोडकर मुख्यधारा में शामिल होने वाले छह गुटों के तीन सौ 18 उग्रवादियों को आज गुवाहाटी में डेढ-डेढ लाख रूपये के चैक सौंपे। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने उल्फा से भी अपील की कि वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के नेतृत्व में राज्य सरकार की शांति पहल में शामिल हों। मुख्यमंत्री ने कहा कि असम के 24 जिलों में सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम हटाया जा चुका है और जल्द ही शेष स्थानों में भी इसे हटा लिया जायेगा। सरमा ने कहा कि राज्य सरकार गुमराह युवकों को सही मार्ग दिखा रही है और उम्मीद है कि वे मजबूत असम बनाने की दिशा में पूरी शक्ति और ऊर्जा के साथ सहयोग करेंगे।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 October 2022

पीएम मोदी का देश को बांटने की नकारात्‍मक सोच से बचने का आग्रह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से धर्म, जाति और भाषा के आधार पर बचने को कहा    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज गुजरात के केवडिया में  स्टेचू ऑफ यूनिटी पर आयोजित राष्ट्रीय एकता दिवस परेड की अध्यक्षता की। प्रधानमंत्री ने सरदार पटेल की जयन्ती पर पुष्पांजलि  अर्पित की। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय एकता दिवस देश को एकजुट करने में सरदार पटेल के बहुमूल्य योगदान के प्रति श्रद्धांजलि है। उन्होंने कहा कि एकता हमेशा से ही भारत की अनूठी विशेषता रही है लेकिन  देश को तोडने और विभाजित करने की कोशिशें आज तक चल रही हैं। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वे धर्म, जाति और भाषा के आधार पर देश को बांटने की नकारात्मक सोच से बचें। प्रधानमंत्री ने कल मोरबी में पुल ढहने की घटना में मरने वालों के प्रति संवेदना व्यक्त की और कहा कि केन्द्र राज्य सरकार की मदद के लिए हरसंभव सहायता दे रहा है। उन्होंने आश्वासन दिया कि राहत और बचाव कार्यों में कोई कमी नहीं आने दी जायेगी। एकता दिवस परेड में सीमा सुरक्षा बल और पांच राज्य पुलिस बलों के दस्तों ने हिस्सा लिया। 2022 के राष्ट्रमंडल खेलों में पुलिस खेल पदक जीतने वाले छह खिलाडियों ने भी परेड में हिस्सा लिया। मोरबी पुल दुर्घटना के कारण इस अवसर पर होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम रद्द कर दिये गए।प्रधानमंत्री ने आरंभ कार्यक्रम का चौथा चरण  पूरा करने वाले 97वें कॉमन फाउंडेशन कोर्स के अधिकारी प्रशिक्षुओं को भी संबोधित किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 October 2022

लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर राष्ट्रीय एकता दिवस

   राष्‍ट्र, आज आधुनिक भारत के निर्माता  मना रहा     कृतज्ञ राष्‍ट्र आज आधुनिक भारत के निर्माता, लौह पुरूष, सरदार वल्‍लभ भाई पटेल को उनकी 147वीं जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है। इसे राष्‍ट्रीय एकता दिवस के रूप में भी मनाया जा रहा है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु, उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ और गृह मंत्री अमित शाह ने आज सुबह नई दिल्ली में पटेल चौक पर सरदार वल्लभभाई पटेल की प्रतिमा पर पुष्‍पांजलि अर्पित की। दिल्ली के उपराज्यपाल वी.के. सक्सेना और केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने भी सरदार पटेल को श्रद्धांजलि दी। पुष्‍पांजल‍ि अर्पित करने के बाद  शाह ने नई दिल्‍ली के नेशनल स्‍टेडियम से रन फॉर यूनिटी दौड़ को झंडी दिखाकर रवाना किया। इसमें करीब आठ हजार लोग हिस्‍सा ले रहे हैं। विदेश मंत्री एस. जयशंकर भी इस अवसर पर उपस्थित थे।  शाह ने कहा कि हम सरदार पटेल को भारत के भविष्‍य में योगदान के लिए याद करते हैं। उन्‍होंने कहा कि सरदार पटेल ने अनेक रजवाडों को भारतीय संघ में शामिल करने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्‍होंने कहा कि आज का दिन इसलिए भी महत्‍वपूर्ण है कि हम आजादी का अमृत महोत्‍सव मना रहे हैं। शाह ने लोगों से अपील की कि वे सरदार पटेल के कदमों पर चलते हुए देश की एकता और अंखडता के लिए काम करें।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 October 2022

दक्षिण कोरिया में कल रात मची भगदड़ में मरने वालों की संख्या 151 हुई

  लोगों की मृत्यु पर राष्ट्रीय शोक की घोषणा , आधा झंडा झुकाने का निर्देश   दक्षिण कोरिया की राजधानी सोल में कल रात मची भगदड़ में मरने वालों की संख्या एक सौ 51 हो गई है। एक सौ 80 लोग इस हादसे में घायल हुए हैं। सोल के इतावॉन में हैलोइन मनाने के लिए एकत्र हुई भारी भीड़ में भगदड़ मच जाने से यह हादसा हुआ। मृतकों की संख्या और बढ़ने की आशंका है। कई घायलों की हालत काफी गंभीर है। घटना के कारणों के बारे में प्रामाणिक ब्यौरा अभी नहीं मिला है। स्थानीय मीडिया का अनुमान है कि हैलोइन मनाने के लिये लगभग एक लाख लोग इतावॉन में एकत्र थे। दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति यून सुक-योल ने भगदड में एक सौ 51 लोगों की मृत्यु पर राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है और आधा झंडा झुकाने का निर्देश दिया है। भगदड के एक दिन बाद यून ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए इसे भयावह दुर्घटना बताया है। उन्होंने कहा कि सबसे महत्वपूर्ण बात दुर्घटना के कारण का पता लगाना और ऐसी दुर्घटना दोबारा होने से रोकना है। कोविड प्रतिबंध हटने के बाद दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में हैलोवीन उत्सव चल रहा था। उत्सव में एक लाख से अधिक लोग हिस्सा ले रहे थे। हताहतों की संख्या बढने की संभावना है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 October 2022

केन्द्र ने चीनी निर्यात पर प्रतिबंध एक और वर्ष के लिए बढ़ाया

  चीनी के निर्यात पर प्रतिबंध अगले वर्ष 31 अक्तूबर तक लागू रहेगा   केन्द्र सरकार ने चीनी के निर्यात पर प्रतिबंध और एक वर्ष के लिए बढ़ा दिया है। यह निर्णय इस महीने की 31 तारीख से लागू होगा। घरेलू बाज़ारों में चीनी की उपलब्धता बढ़ाने और कीमतों पर नियंत्रण के लिए यह निर्णय लिया गया है। विदेश व्यापार महानिदेशालय ने एक अधिसूचना में कहा कि चीनी के निर्यात पर प्रतिबंध अगले वर्ष 31 अक्तूबर तक लागू रहेगा। अधिसूचना के अनुसार यूरोपीय संघ और अमरीका को चीनी निर्यात पर यह पाबंदी लागू नहीं होगी। केंद्र सरकार ने घरेलू बाजार में चीनी के दामों पर नियंत्रण बनाए रखने के लिए चीनी के निर्यात पर लगी रोक को सीधे एक साल के लिए और बढ़ा दिया है।  इस साल मई में चीनी के निर्यात पर रोक लगाया गया था, जो 31 अक्टूबर, 2022 तक लागू था। एक सर्कुलर में इस सीमा को 31 अक्टूबर, 2023 तक बढ़ा दिया गया है. भारत, जोकि दुनिया का सबसे बड़ा चीनी उत्पादक देश बन चुका है, वो अगले एक साल में कुछ अपवादों को छोड़कर चीनी का निर्यात नहीं करेगा. सर्कुलर के मुताबिक, यह आदेश 31 अक्टूबर, 2023 या अगले आदेश तक, जो भी पहले आए, तक लागू रहेगा।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 October 2022

प्रधानमंत्री - समूचा विश्‍व सौर ऊर्जा को भविष्‍य के रूप में देख रहा है

  भारत के लिए सूर्य देव सदियों से उपासना ही नहीं बल्कि जीवन पद्धति के केन्‍द्र रहे हैं   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि भारत सौर ऊर्जा से बिजली पैदा करने वाले सबसे बड़े देशों में शामिल हो गया है। आज सुबह मन की बात कार्यक्रम में राष्‍ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि समूचा विश्‍व सौर ऊर्जा को भविष्‍य के रूप में देख रहा है। उन्‍होंने इस बात पर जोर दिया कि भारत इस क्षेत्र में अपने पारंपरिक अनुभवों को आधुनिक विज्ञान के साथ जोड़ रहा है। उन्‍होंने कहा कि सौर ऊर्जा देश के गरीब और मध्‍यम वर्ग के जीवन में बदलाव ला रहा है। मोदी ने कहा कि भारत के लिए सूर्य देव सदियों से उपासना ही नहीं बल्कि जीवन पद्धति के केन्‍द्र रहे हैं। उन्‍होंने तमिलनाडु के थिरू के एझिलन का उदाहरण दिया जो कि एक किसान है। श्री एझिलन ने कुसुम योजना का लाभ लिया और अपने खेत में दस हॉर्सपॉवर का सोलर पंप लगवाया। अब उन्‍हें अपने खेत के लिए बिजली पर कुछ खर्च नहीं करना होता है। खेत में सिंचाई के लिए अब वह सरकार की बिजली सप्‍लाई पर निर्भर भी नहीं है। प्रधानमंत्री ने पीएम कुसुम योजना के एक अन्‍य लाभार्थी का उदाहरण दिया। राजस्‍थान के कमल जी मीणा ने खेत में सोलर पंप लगाया जिससे उनकी लागत कम हो गई है। कमल जी सोलर बिजली से दूसरे कई छोटे उद्योगों को भी जोड़ रहे हैं। वे करीब दस लोगों को रोजगार भी दे रहे हैं। मोदी ने कहा कि सौर ऊर्जा ने यह दिखा दिया है कि लोगों को बिजली का उपयोग करने पर भुगतान करने की बजाय बिजली उत्‍पादन के लिए भी भुगतान किया जा सकता है। उन्‍होंने देश के पहले सौर ऊर्जा गांव गुजरात के मौढेरा का भी उल्‍लेख किया। उन्‍होंने इस बात पर गर्व व्‍यक्‍त किया कि मौढेरा गांव के ज्‍यादातर घर सोलर पॉवर से बिजली पैदा करने लगे हैं उन्‍होंने कहा कि देश के बहुत से गांव के लोग चिट्ठियां लिख कर कह रहे हैं कि उनके गांव को भी सूर्य ग्राम में बदला जाए। उन्‍होंने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि वह दिन अब दूर नहीं जब भारत में सूर्य ग्राम का निर्माण एक जन आंदोलन बन जाएगा। मोदी ने मन की बात के श्रोताओं को मौढेरा के लोगों से परिचित कराया। उन्‍होंने बिपिन्‍न पटेल से बातचीत की जिन्‍होंने कहा कि समूचे गांव की आर्थिक परिस्थिति सुधर रही है। प्रधानमंत्री ने मौढेरा गांव के वर्षा बहन से भी बात की। वर्षा बहन ने इस बात पर प्रसन्‍नता व्‍यक्‍त की कि गांव में चौबीसों घंटे बिजली आ गई है और बिजली का बिल भी नहीं आ रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि मौढेरा पूरे देश के लिए प्रेरणा का स्रोत बनना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि मौढेरा का अनुभव पूरे देश में दोहराया जा सकता है। सूर्य की शक्ति अब पैसे भी बचाएगी और आय भी बढाएगी। श्री मोदी ने श्रीनगर के मंजूर अहमद लर्हवाल का भी जिक्र किया जिन्‍होंने अपने घर में सोलर रूफ टॉप प्‍लांट लगवाया है, जिसके परिणामस्‍वरूप बिजली का खर्च आधे से भी कम हो गया है। उन्‍होंने ओडिशा की कुन्‍नी देउरी का भी जिक्र किया जो सौर ऊर्जा को अपने साथ-साथ दूसरी महिलाओं के रोजगार का माध्‍यम बना रही है। कुन्‍नी ओडिशा के केन्‍दूझर जिले के करदापाल गांव में रहती है। वे आदिवासी महिलाओं को सोलर से चलने वाली रिलिंग मशीन पर रेशम कताई का प्रशिक्षण देती है। सोलर मशीन के कारण इन आदिवासी महिलाओं पर बिजली बोझ नहीं पडता। प्रधानमंत्री ने गर्व से कहा कि भारत अंतरिक्ष क्षेत्र में भी कमाल कर रहा है। उन्‍होंने कहा कि पूरी दुनिया भारत की उपलब्ध्यिां देखकर हैरान है। उन्‍होंने कहा कि भारत ने एक साथ 36 सैटेलाइट अंतरिक्ष में स्‍थापित किए हैं और यह सफलता दिवाली से एक दिन पहले मिली। उन्‍होंने इसे देश के युवाओं के लिए दिवाली का विशेष उपहार बताया। उन्‍होंने कहा कि इस प्रक्षेपण से डिजिटल कनेक्‍टिविटी को और मजबूती मिलेगी तथा दूर-दराज के क्षेत्र भी देश की बाकी हिस्‍सों से जुड जाएंगे। उन्‍होंने उन दिनों को याद किया जब भारत को क्रायोजनिक रॉकेट टेक्‍नोलोजी देने से मना कर दिया गया था। उन्‍होंने कहा कि भारत के वैज्ञानिकों ने न सिर्फ स्‍वदेशी टेक्‍नोलोजी विकसित की बल्कि आज इसकी मदद से एक साथ दर्जनो सैटैलाइट अंतरिक्ष में भेजे जा रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि इस लांचिग के साथ भारत ग्‍लोबल कर्मिशियल मार्केट में एक मजबूत प्‍लेयर बन कर उभरा है और इससे अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत के लिए अवसरों के नए द्वार भी खुले हैं। श्री मोदी ने कहा कि पहले स्‍पेस सेक्‍टर सरकारी व्‍यवस्‍थाओं के दायरे में सिमटा हुआ था। उन्‍होंने कहा कि भारत की युवाओं के लिए स्‍पेस सेक्‍टर कॉलेज जाने के बाद से क्रांतिकारी परिवर्तन आने लगे हैं। भारतीय उद्योग और स्‍टार्टअप इस क्षेत्र में नए-नए इनोवेशन और नई-नई टेक्‍नोलोजी लाने में जुटे हैं । प्रधानमंत्री ने कहा कि इन स्‍पेस के सहयोग से इस क्षेत्र में बड़ा बदलाव होने जा रहा है। इन-स्‍पेस के जरिए गैर सरकारी कंपनियों को भी अपने पे-लोड और सैटेलाइट लांच करने की सुविधा मिल रही है। उन्‍होंने अधिक से अधिक स्‍टार्ट-अप और इनोवेटर्स को स्‍पेस सेक्‍टर में भारत में बन रहे इन बडे अवसरों का लाभ उठाने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने स्‍टूडेंट पॉवर के बारे में बातचीत की और कहा कि यह भारत को ताकतवर बनाने का आधार है। उन्‍होंने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि जब भारत शताब्‍दी बनाएगा तो युवाओं की यह शक्ति भारत को उस ऊंचाई तक ले जाएगी जिस पर आज भारत काम कर रहा है। उन्‍होंने कहा कि भारत के युवा जिस तरह से हैकेथॉस में प्रॉब्‍लम सॉल्‍व कर रहे हैं वह बहुत ही प्रेरणा देने वाला है। उन्‍होंने कहा कि देश के लाखों युवाओं के साथ वर्षों में हुई एक हैकेथॉन ने बहुत सारे चैलेंजिस को निपटाया और देश को नए सोल्‍यूशन दिए हैं। मोदी ने कहा कि उन्‍होंने लाल किले से जय अनुसंधान का आह्वान किया था और इस दशक को भारत का टेकेड बनाने की भी बात की थी। उन्‍हें इस बात पर खुशी हुई कि इसी महीने 14-15 अक्‍तूबर को सभी 23 आईआईटीस अपने इनोवेशन और रिसर्च प्रोजेक्‍ट्स को प्रदर्शित करने के लिए पहले बार एक मंच पर आए। इस मेले में देशभर के स्‍टूडेंट्स और रिसर्चर्स ने 75 से अधिक बेहतरीन प्रोजेक्‍ट्स को प्रदर्शित किया।  इनकी थीम में हेल्‍‍थकेयर, एग्रीकल्‍चर, रोबोटिक्‍सा, सेमी कंडक्‍टर्स, 5-जी कम्‍यूनिकेशन्‍स शामिल थे। प्रधानमंत्री ने आई आई टी भुवनेश्‍वर की एक टीम का उदाहरण दिया जिन्‍होंने नवजात शिशुओं के लिए पोर्टेबल वेंटिलेर विकसित किया है। यह बेटरी से चलता है और इसका उपयोग दूर-दराज के क्षेत्रों में आसानी से किया जा सकता है। उन्‍होंने कहा कि यह उन बच्‍चों का जीवन बचाने में बहुत मददगार साबित हो सकता है, जिनका जन्‍म तय समय से पहले हो जाता है। मोदी ने यह भी उल्‍लेख किया कि कई आईआईटी मिलकर एक बहुभाषक प्रोजेक्‍ट पर भी काम कर रहे हैं जो स्‍थानीय भाषाओं के सीखने के तरीके को आसान बनाता है। यह प्रोजेक्‍ट नई राष्‍ट्र शिक्षा नीति को अपने लक्ष्‍यों को हासिल करने में बहुत मदद करेगा। आईआईटी मद्रास और आईआईटी कानपुर ने भारत के स्‍वदेशी 5-जी टेस्‍ट बेड तैयार करने में अग्रणी भूमिका निभाई है। प्रधानमंत्री ने उम्‍मीद व्‍यक्‍त की कि आईआईटी से प्रेरणा लेकर दूसरी संस्‍थाएं भी अनुसंधान एवं विकास से जुडी अपनी गतिविधियों में तेजी लाएंगे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 October 2022

विधायक आजम खान दोषी ठहराए जाने के बाद विधानसभा की सदस्‍यता से अयोग्‍य घोषित

  तीन साल की सजा के बाद आज़म की विधायकी अघोषित  उत्‍तर प्रदेश में पूर्व मंत्री और समाजवादी पार्टी के विधायक आजम खान को नफरत फैलाने वाले भाषण मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद विधानसभा की सदस्‍यता से अयोग्‍य घोषित कर दिया गया है। विधानसभा सचिवालय ने रामपुर विधानसभा सीट रिक्‍त घोषित कर दी है। बृहस्‍पतिवार को आजम खान को हेट स्‍पीच मामले में तीन वर्ष की सजा सुनाई गई थी। उनके खिलाफ- 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान भड़काने वाला भाषण देने के आरोप में मामला दर्ज किया गया था। भड़काऊ भाषण  देने के मामले में दोषी करार दिए गए सपा के वरिष्ठ नेता और रामपुर शहर सीट के विधायक मोहम्मद आजम खां  की विधानसभा की सदस्यता  शुक्रवार को समाप्त कर दी गई। इस मामले में गुरुवार को रामपुर की एमपी एमएलए कोर्ट ने उन्हें 3 वर्ष की सजा सुनाई थी। आजम को विधानसभा की सदस्यता के लिए अयोग्य घोषित किये जाने के चुनाव आयोग का पत्र मिलने के बाद विधानसभा सचिवालय ने इस बारे में देर शाम अधिसूचना जारी कर दी है। आजम की विधान सभा सदस्यता समाप्त होने के साथ ही रामपुर सीट रिक्त घोषित कर दी गई है। अब चुनाव आयोग रामपुर की रिक्त सीट के उपचुनाव का कार्यक्रम घोषित करेगा। भड़काऊ भाषण मामले में रामपुर के अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम/विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट एमपी-एमएलए निशांत मान ने सपा महासचिव व रामपुर शहर विधायक आजम खां को गुरुवार को तीन साल कैद व छह हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। 93 मुकदमों में फंसे आजम को यह पहली सजा है। सजा सुनाने के कुछ देर बाद ही उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 October 2022

व्यापारिक समुदाय बजट का कम से कम 5 प्रतिशत एक जिला-एक उत्‍पाद कार्यक्रम के लिए आवंटित करें

 देश के दो सौ पचास से अधिक जिलों में हॉलमार्क केन्द्र स्थापित किए गए   केन्द्रीय वाणिज्य और खाद्यमंत्री पीयूष गोयल ने व्यापारिक समुदाय से अपील की है कि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पंच प्रण के हिस्से के रूप में वर्ष 2047 तक भारत को विकसित राष्ट्र बनाने में योगदान करें। इस लक्ष्य के लिए सामूहिक दायित्व पर बल देते हुए मंत्री ने व्यापारियों से कहा कि वे उत्पादों के विपणन को प्रोत्साहित करें और मेक इन इंडिया कार्यक्रम की सफलता सुनिश्चित करने के लिए एक-दूसरे की सहायता करें। कल शाम हैदराबाद में तेलंगाना वाणिज्य और उद्योग मंडलों के परिसंघ - एफटीसीसीआई के सदस्यों के साथ बातचीत करते हुए मंत्री ने उनसे कहा कि वे अपने बजट का कम से कम पांच प्रतिशत एक जिला-एक उत्‍पाद कार्यक्रम के लिए आवंटित करें। इससे आत्मनिर्भर भारत में दूर-दराज के क्षेत्रों के लोगों की मदद की जा सकेगी। उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्षों में सरकार के प्रयासों के परिणामस्वरूप देश के दो सौ पचास से अधिक जिलों में हॉलमार्क केन्द्र स्थापित किए गए हैं और अब नब्बे प्रतिशत आभूषण हॉलमार्क युक्त हैं। निर्यात के बारे में मंत्री ने कहा कि इस वर्ष यह बढकर साढ़े सात खरब डॉलर पर पहुंचने का अनुमान है। यह पिछले वर्ष छह खरब 75 अरब डॉलर का था। गोयल ने कपास उद्योग के हितधारकों से कहा कि वे एक कार्यनीति पर विचार करें ताकि कपास उत्पादों के अच्छे दाम मिल सकें और भारतीय कपास का ब्रॉंड विकसित हो सके।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 October 2022

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल दिन में 11 बजे आकाशवाणी से मन की बात

   कार्यक्रम में देश-विदेश के लोगों से अपने विचार साझा करेंगे   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल सुबह 11 बजे आकाशवाणी से मन की बात कार्यक्रम में अपने विचार साझा करेंगे। यह मासिक रेडियो कार्यक्रम की 94वीं कडी होगी। कार्यक्रम का प्रसारण आकाशवाणी और दूरदर्शन के समूचे नेटवर्क, आकाशवाणी समाचार की वेबसाइट और न्यूज ऑन ए आई आर मोबाइल एप पर किया जाएगा। आकाशवाणी समाचार, दूरदर्शन समाचार, प्रधानमंत्री कार्यालय तथा सूचना और प्रसारण मंत्रालय के यू-ट्यूब चैनलों पर भी कार्यक्रम सीधा प्रसारित होगा। आकाशवाणी से हिंदी प्रसारण के तुरंत बाद क्षेत्रीय भाषाओं में भी मन की बात कार्यक्रम प्रसारित किया जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 October 2022

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल दिन में 11 बजे आकाशवाणी से मन की बात

   कार्यक्रम में देश-विदेश के लोगों से अपने विचार साझा करेंगे   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल सुबह 11 बजे आकाशवाणी से मन की बात कार्यक्रम में अपने विचार साझा करेंगे। यह मासिक रेडियो कार्यक्रम की 94वीं कडी होगी। कार्यक्रम का प्रसारण आकाशवाणी और दूरदर्शन के समूचे नेटवर्क, आकाशवाणी समाचार की वेबसाइट और न्यूज ऑन ए आई आर मोबाइल एप पर किया जाएगा। आकाशवाणी समाचार, दूरदर्शन समाचार, प्रधानमंत्री कार्यालय तथा सूचना और प्रसारण मंत्रालय के यू-ट्यूब चैनलों पर भी कार्यक्रम सीधा प्रसारित होगा। आकाशवाणी से हिंदी प्रसारण के तुरंत बाद क्षेत्रीय भाषाओं में भी मन की बात कार्यक्रम प्रसारित किया जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 October 2022

नई टैक्‍नोलोजी के कारण सुरक्षा व्‍यवस्‍था को गंभीर चुनौती का सामना करना पड रहा है

  आतंकवाद का सामना करने के लिए विशेष प्रतिबंध लागू करने की व्‍यवस्‍था   विदेशमंत्री डॉ. एस जयशंकर ने कहा है कि एशिया और अफ्रीका में आतंकवाद का खतरा बढता जा रहा है और नई टैक्‍नोलॉजी के कारण सुरक्षा व्‍यवस्‍था को गंभीर चुनौती का सामना करना पड रहा है। डॉ0 जयशंकर, नई और उभरती टैक्‍नोलॉजी का आतंकवाद के लिए गलत इस्‍तेमाल रोकने पर चर्चा के लिए नई दिल्‍ली में आयोजित संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद की आतंकवाद रोधी समिति की विशेष बैठक के पूर्ण सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि आतंकवाद मानवता के लिए सबसे बडा खतरा है। वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क, एन्‍क्रिप्टिड मैसेजिंग, वर्चुअल करेंसी जैसी नई टैक्‍नोलॉ‍जी आने से सरकारों और नियामक संगठनों को नई चुनौतियों का सामना करना पड रहा है, क्‍योंकि आतंकवाद के लिए इनका गलत इस्‍तेमाल किया जा रहा है। डॉ0 जयशंकर ने आतंकवादी गुटों और संगठित आपराधिक नेटवर्कों द्वारा मानव रहित ड्रोन प्रणालियों का इस्‍तेमाल भी बडा खतरा बन गया है। इनकी मदद से आतंकवादी हमलों के लिए हथियारों के साथ ड्रग्‍स की भी तस्‍करी हो रही है। विदेश मंत्री ने कहा कि आतंकवादी गुट अफ्रीका में सुरक्षाबलों और संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति सैनिकों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए ड्रोन का इस्‍तेमाल कर रहे हैं। डॉ0 जयशंकर ने कहा कि संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद के अध्‍यक्ष के रूप में भारत के कार्यकाल के दौरान आतंकवाद रोधी अभियान को सर्वोच्‍च प्राथमिकता दी जा रही है। सुरक्षा परिषद ने इस उद्देश्‍य के लिए विशेष प्रणाली विकसित की है। इसमें आतंकवाद का सामना करने के लिए विशेष प्रतिबंध लागू करने की व्‍यवस्‍था है। उन्‍होंने कहा कि इससे उन देशों को सावधान किया गया है, जिन्‍होंने आतंकवाद को सरकारी सहायता से चलने वाला उद्यम बना दिया है।डॉ0 जयशंकर ने आतंकवाद की रोकथाम और नई टैक्‍नोलॉजी के गलत इस्‍तेमाल को रोकने के अंतर्राष्‍ट्रीय प्रयासों में मदद की भारत की प्रतिबद्धता दोहराई।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 October 2022

रूस-यूक्रेन संघर्ष के कारण  वैश्विक ऊर्जा परिदृश्य में बदलाव आ सकता है

रूस ने यूक्रेन में अमरीका की "सैन्य-जैविक गतिविधियों" की अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग करते हुए शिकायत दर्ज की अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी ने कहा है कि रूस-यूक्रेन संघर्ष के कारण ऊर्जा संकट बढ़ने से कई दशकों के लिए वैश्विक ऊर्जा परिदृश्य में बदलाव आ सकता है और नवीकरणीय ऊर्जा का इस्‍तेमाल बढ़ सकता है। वैश्विक ऊर्जा परिदृश्य पर ऊर्जा एजेंसी की ताज़ा रिपोर्ट में कहा गया है कि ऊर्जा संकट के कारण होने वाले दीर्घकालिक बदलावों से अधिक सतत तथा सुरक्षित ऊर्जा व्‍यवस्‍थाओं का चलन तेजी से बढ सकता है। रूस ने यूक्रेन में अमरीका की "सैन्य-जैविक गतिविधियों" की अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग करते हुए शिकायत दर्ज की रूस ने यूक्रेन में अमरीका की "सैन्य-जैविक गतिविधियों" की अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग करते हुए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में शिकायत दर्ज की है। रूसी विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि रूसी संघ के पास मसौदा प्रस्‍ताव के साथ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में शिकायत दर्ज करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा था। मंत्रालय ने कहा कि यूक्रेन के क्षेत्र में विशेष सैन्य अभियान के दौरान अमरीकी सैन्य-जैविक गतिविधियों से संबंधित साक्ष्य और सामग्री प्राप्त हुई है। यूक्रेन युद्ध की शुरुआत के तुरंत बाद रूस ने अमरीका पर जैविक हथियारों के विकास और अनुसंधान के लिए वित्तपोषण का आरोप लगाया था। हालांकि अमरीका और यूक्रेन ने देश में जैविक हथियारों के उत्पादन के लिए किसी भी प्रयोगशाला की मौजूदगी से इनकार किया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 October 2022

अत्‍याधुनिक तकनीक की मदद से कानून और व्‍यवस्‍था प्रणाली में सुधार संभव

देश को मजबूत करने से देश का हर नागरिक सशक्त होगा प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि पंच प्रण को सुशासन का पथ प्रदर्शक होना चाहिए। हरियाणा के सूरजकुंड में राज्‍यों के गृह मंत्रियों के दो दिन के चिंतन शिविर को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि अमृत काल में भारत के विकास की परिकल्‍पना को साकार करने में पंच प्रण की भूमिका महत्‍वपूर्ण होगी। श्री मोदी ने कहा कि संविधान के अनुसार कानून और व्‍यवस्‍था हालांकि राज्‍यों की जिम्‍मेदारी है, लेकिन इनका संबंध देश की एकता और अखण्‍डता से भी है।  मोदी ने कहा कि देश को मजबूत करने से देश का हर नागरिक सशक्त होगा, जिसे उन्होंने सुशासन करार दिया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक राज्य को इस लाभ को पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति तक ले जाना चाहिए और इसे सुनिश्चित करने के लिए गृह मंत्रियों की भूमिका अधिक महत्वपूर्ण है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अपराध अब स्थानीयकृत नहीं है और अंतरराज्यीय, अंतर्राष्ट्रीय अपराध की घटनाएं बढ़ रही हैं, इसलिए, राज्य एजेंसियों के बीच और केंद्र तथा राज्य एजेंसियों के बीच परस्पर सहयोग महत्वपूर्ण होता जा रहा है। उन्होंने कहा कि चाहे साइबर अपराध हो या हथियारों या मादक पदार्थों की तस्करी के लिए ड्रोन तकनीकों का इस्तेमाल, सरकार को इनसे निपटने के लिए नई तकनीकों की दिशा में काम करते रहने की जरूरत है।  मोदी ने कहा कि स्मार्ट तकनीक की मदद से कानून व्यवस्था को और बेहतर बनाया जा सकता है। उन्होंने मुख्यमंत्रियों और गृह मंत्रियों से, बजट की बाधाओं से परे जाकर प्रौद्योगिकी की आवश्यकता का गंभीरता से आकलन करने का अनुरोध किया क्योंकि यह तकनीक आम नागरिकों को सुरक्षा के प्रति आश्‍वस्‍त करेगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 October 2022

UN का 27वां जलवायु परिवर्तन सम्मेलन अगले महीने मिस्र के शर्म अल-शेख में होगा

कोयले के उपयोग को कम करने की प्रतिबद्धता पर भी विचार विमर्श होगा   संयुक्त राष्ट्र का 27वां जलवायु परिवर्तन सम्मेलन अगले महीने की 6 से 18 तारीख तक मिस्र के शर्म अल-शेख में होगा। ये सम्मेलन अफ्रीका में पांचवीं बार आयोजित होगा। इसमें 200 से अधिक देशों को आमंत्रित किया गया है। स्थानीय सरकार का मानना है कि ये सम्मेलन जलवायु परिवर्तन से महाद्वीप में हो रहे गंभीर परिणामों पर ध्यान केन्द्रित करेगा। जलवायु परिवर्तन संबंधी विभिन्न देशों की अंतर्राष्ट्रीय समिति का मानना है कि अफ्रीका जलवायु परिवर्तन से विश्व के सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में है। सम्मेलन में तीन मुख्य क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित किया जायेगा। इसमें उत्सर्जन कम करना, जलवायु परिवर्तन से निपटने, तकनीकी सहायता और विकासशील देशों को जलवायु गतिविधियों के लिए आर्थिक मदद करना शामिल है। इस दौरान पिछले सम्मेलन के लंबित और महत्वपूर्ण मुद्दों को भी उठाया जाएगा। साथ ही कोयले के उपयोग को कम करने की प्रतिबद्धता पर भी विचार विमर्श होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 October 2022

जल जीवन मिशन के अंतर्गत गुजरात शत-प्रतिशत परिवारों को नल से जल पहुंचाने वाला राज्‍य

  गुजरात, हरियाणा और तेलंगाना के बाद  देश का तीसरा बड़ा राज्य गुजरात शत-प्रतिशत हर घर जल पहुंचाने वाला राज्य घोषित कर दिया गया है। राज्य के ग्रामीण इलाकों के सभी घरों में नल के जरिये स्वच्छ पेय जल पहुंचाया जा रहा है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार राज्य के 91 लाख 73 हजार 378 घरों में नल कनेक्शन पहुंच चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शत प्रतिशत हर घर जल राज्य घोषित होने पर गुजरात की सराहना की है। प्रधानमंत्री ने गुजरात के लोगों को बधाई देते हुए कहा कि यह उपलब्धि राज्य के लोगों की जल शक्ति के प्रति उत्साह दर्शाती है। एक अन्य ट्वीट में गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष सांघवी ने गुजराती नववर्ष के अवसर पर इसे एक बड़ी उपलब्धि बताया है। उन्होंने कहा कि गुजरात, हरियाणा और तेलंगाना के बाद  देश का तीसरा बड़ा राज्य है जिसे जल जीवन मिशन पूर्ण करने वाला राज्य घोषित किया गया है। जल जीवन मिशन के अंतर्गत न सिर्फ जल आपूर्ति ढॉंचे का निर्माण बल्कि जल आपूर्ति सेवा पर भी ध्यान केंद्रित किया जाता है। जल जीवन मिशऩ का आदर्श वाक्य है- कोई भी न छूटे। इसके अंतर्गत प्रत्येक घर में नल से जल आपूर्ति सुनिश्चित की जाती है। इस योजना के अंतर्गत सरकार ने 2024 तक देश के प्रत्येक गांव में नल से पीने का पानी पहुंचाने का लक्ष्य रखा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 October 2022

भारत ने कहा- अंतर्राष्‍ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए आतंकवाद गंभीर खतरा

दो दशकों में सदस्य देशों ने आतंकवाद का सामना करने के लिए ठोस कार्रवाई की   भारत ने कहा है कि आतंकवाद अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के आतंकवादरोधी समिति में भारत की स्थाई प्रतिनिधि रूचिरा कंबोज ने कल से दिल्ली और मुंबई में शुरू हो रही दो दिन की विशेष बैठक से पहले ये बात कही। बैठक का विषय है-आतंकवादी गतिविधियों के लिए नई और उभरती प्रौद्योगिकियों के इस्‍तेमाल से निपटना'। कंबोज ने कल नई दिल्ली में मीडिया को बताया कि पिछले दो दशकों में सदस्य देशों ने आतंकवाद का सामना करने के लिए ठोस कार्रवाई की है। उऩ्होंने कहा कि यह बैठक आतंकवादी गतिविधियों के लिए नई और उभरती प्रौद्योगिकियों के इस्‍तेमाल से निपटने में महत्वपूर्ण होगी। ब्रिटेन के विदेश मंत्री जेम्स क्लेवरली सहित कई देशों के विदेशमंत्री बैठक में शामिल होंगे।भारत 28 और 29 अक्तूबर को मुंबई और नई दिल्ली में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आतंकवाद रोधी समिति (सीटीसी) की विशेष बैठक की मेजबानी करेगा। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज ने मंगलवार को कहा कि पिछले दो दशकों में सदस्य देशों ने आतंकवाद और हिंसक उग्रवाद का मुकाबला करने में ठोस प्रगति की है। फिर भी, आतंकी खतरा बना हुआ है। यह हमारे सर्वोत्तम प्रयासों के बावजूद भी विकसित हुआ है।  कंबोज ने कहा, आतंकवाद अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए सबसे बड़े खतरों में एक बना हुआ है। टेक्नोलॉजी के प्रसार और डिजिटलीकरण में तेजी से वृद्धि के साथ ही आतंकी उद्दश्यों के लिए इसका इस्तेमाल बढ़ गया है। यह चिंता का विषय बन गया है   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 October 2022

राज्‍यों के गृहम‍ंत्रियों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के उप-राज्‍यपालों का चिंतन शिविर

  गृहमंत्री अमित शाह हरियाणा के सूरजकुंड में करेंगे अध्‍यक्षता  केन्‍द्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह हरियाणा के सूरजकुंड में आज से शुरू हो रहे राज्‍यों के गृह मंत्रियों के दो दिन के चिंतन शिविर की अध्‍यक्षता करेंगे। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी कल वीडियो कॉफ्रेंस के माध्‍यम इस शिविर को सम्‍बोधित करेंगे। राज्‍यों के गृह मंत्री और केन्‍द्रशासित प्रदेशों के उपराज्‍यपाल तथा प्रशासक इस सम्‍मेलन में शामिल होंगे। राज्‍यों के गृह सचिव, पुलिस महानिदेशक, केन्‍द्रीय सशस्‍त्र पुलिस बल और केन्‍द्रीय पुलिस संगठनों के महानिदेशक भी चिंतन शिविर में हिस्‍सा लेंगे। हमारे संवाददाता ने बताया है कि सम्‍मेलन के छह सत्रों में कई विषयों पर विचार-विमर्श होगा।केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज हरियाणा पहुंच रहे हैं। यहां वो फरीदाबाद से 6,629 करोड़ रुपए की विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। वहीं सूरजकुंड में गृह मंत्रियों के सम्मेलन की शुरुआत होगी, जहां आंतरिक सुरक्षा को लेकर विजन 2047 बनाने पर राज्यों से चर्चा की जाएगी। अमित शाह गुरुवार को हरियाणा के फरीदाबाद में सुबह 11 बजे जन उत्थान रैली के माध्यम से 6,629 करोड़ रुपये की लागत वाली चार परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। इनमें 5,618 करोड़ रुपये की लागत वाली हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर परियोजना का शिलान्यास, सोनीपत जिले में 590 करोड़ रुपये की लागत से रेल कोच नवीनीकरण फैक्ट्री का उद्घाटन, रोहतक में 315.40 करोड़ रुपये में बनाया गया देश का पहला सबसे लंबा एलिवेटेड रेलवे ट्रैक शामिल है। 2 दिवसीय सम्मेलन में सबसे प्रमुख मुद्दा आतंरिक सुरक्षा का रहेगा। इसमें पुलिस बलों के आधुनिकीकरण, साइबर अपराध प्रबंधन, आपराधिक न्याय प्रणाली में आईटी के बढ़ते उपयोग, भूमि सीमा प्रबंधन, तटीय सुरक्षा, महिला सुरक्षा, मादक पदार्थों की तस्करी जैसे मुद्दों पर विचार-विमर्श होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 October 2022

ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने अपने मंत्रिमण्‍डल का गठन किया

   जेरेमी हंट वित्‍तमंत्री और बेन वॉलेस रक्षा मंत्री बने रहेंगे   ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने अपने मंत्रिमंडल का गठन कर लिया है। जेरेमी हंट वित्तमंत्री बने रहेंगे। बेन वॉलेस रक्षामंत्री होंगे जबकि डोमिनिक राब को उप प्रधानमंत्री और सुएला ब्रेवरमैन को गृह मंत्री बनाया गया है। पूर्व प्रधानमंत्री लिज ट्रस ने वित्तीय बाजारों में उथल-पुथल के बाद ग्यारह दिन पहले ही जेरेमी हंट को वित्तमंत्री नियुक्त किया था। कंजरवेटिव पार्टी के ट्वीट में बताया गया कि डोमिनिक राब को उप प्रधानमंत्री के अलावा कानून मंत्री का भी दायित्व दिया गया है। बेन वॉलेस की रक्षामंत्री के रूप में पुनः नियुक्ति हुई है। वे जुलाई 2019 में रक्षा मंत्री बनाये गये थे और लिज ट्रस सरकार में भी उन्हें इस पद पर रखा गया था। सुएला ब्रेवरमेन ने एक सप्ताह पहले ही लिज ट्रस मंत्रिमंडल से गृह मंत्री पद से इस्तीफा दिया था। सुनक मंत्रिमंडल में उन्हें फिर गृह मंत्री का दायित्व दिया गया है। प्रधानमंत्री चुनाव में ऋषि सुनक की प्रतिद्वंद्वी रहीं पेनी मोर्डन्ट हाउस ऑफ कॉमन्स की नेता बनी रहेंगी। वे प्रिवी काउंसिल की पीठासीन अधिकारी के रूप में काउंसिल की लॉर्ड प्रेसिडेंट की भूमिका भी निभाएंगी। गिलियन कीगन को शिक्षा राज्यमंत्री बनाया गया है। नए मंत्रिमंडल में भारतीय मूल के आलोक शर्मा को जगह नहीं मिली है। जेम्स क्लेवर्ली को फिर से विदेशमंत्री बनाया गया है। सितंबर में लिज ट्रस ने उन्हें इस पद पर नियुक्त किया था। साइमन हार्ट ऋषि सुनक मंत्रिमंडल में मुख्य सचेतक होंगे। पहले यह पद वेंडी मॉर्टन के पास था।  कंजर्वेटिव पार्टी के नए नेता के चुनाव के आरंभिक दौर में बोरिस जॉनसन का समर्थन करने के बावजूद नादिम जहावी मंत्रिमंडल में बने रहेंगे। कल बर्किंघम पैलेस में किंग चार्ल्स तृतीय से मुलाकात करने के बाद ऋषि सुनक अधिकारिक रूप से ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बन गए हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 October 2022

भारतीय दूतावास ने अपने नागरिकों को तत्‍काल यूक्रेन छोडने को कहा

  भारतीय नागरिक सीमा तक पंहुचने के लिए दूतावास से मार्गदर्शन और सहायता के लिए संपर्क कर सकते हैं   यूक्रेन में रह रहे भारतीय नागरिकों को उपलब्‍ध माध्‍यमों से तत्काल देश छोड़ने का परामर्श दिया गया है। यूक्रेन के कीव में भारतीय दूतावास ने परामर्श में कहा है कि भारतीय नागरिक सीमा तक पंहुचने के लिए दूतावास से मार्गदर्शन और सहायता के लिए संपर्क कर सकते हैं। वे भारतीय दूतावास से फोन नंबर 38 09 33 55 99 58, 38 06 35 91 78 81, 38 06 78 74 59 45 पर संपर्क कर सकते हैं। भारतीय नागरिक सीमापार करने के उपलब्‍ध विकल्‍पों के बारे में भारतीय दूतावास की वेबसाइट देख सकते हैं। वे रोमानिया में भारतीय दूतावास से टेलीफोन नंबर 37 21 47  432  और 40 73 13 47 727, पोलैंड में भारतीय दूतावास से 48 22 54 00 000 और 48 60 67 00 105, हंगरी में फोन नंबर 36 13 25 77 42, 36 13 25 77 43 और 36 30 51 54 192 से संपर्क कर सकते हैं या स्‍लोवाकिया में दूतावास के फोन नंबर 42 12 52 96 29 16, 42 19 08 02 52 12 और 42 19 51 69 75 60 पर यूक्रेन से बाहर निकलने के बारे में संपर्क कर सकते हैं। कुछ भारतीय नागरिक कीव में भारतीय दूतावास से जारी पहले परामर्श के बाद यूक्रेन से निकल चुके हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 October 2022

ब्रिटेन के नये प्रधानमंत्री के रूप में ऋषि सुनक ने चार्ज लिया

  ऋषि सुनक भारतीय मूल के ब्रिटेन के पहले प्रधानमंत्री हैं ब्रिटेन के नये प्रधानमंत्री के रूप में ऋषि सुनक ने चार्ज ले लिया है। प्रधानमंत्री बनने के बाद राष्ट्र के नाम संदेश में उन्होंने कहा, “देश इस वक्त मुश्किल दौर में है, लेकिन हम लोगों के भरोसा पर खरा उतरेंगे। यह सरकार हर स्तर पर ईमानदारी, व्यावसायिकता और जवाबदेही पर चलेगी। भरोसा जीता जाता है और मैं आपका भरोसा जीतूंगा। देश को एकजुट करके दिखाऊंगा।” उन्होंने कहा, “मेरी सरकार ऐसी अर्थव्यवस्था का निर्माण करेगी जो ब्रेक्जिट के अवसरों का अधिकतम लाभ उठाए।” वे बोले, “मैं अपने पूर्ववर्ती लिज़ ट्रस सरकार के प्रति सहानुभूति रखता हूं। वह इस देश में विकास में सुधार करना चाहती थीं, वह गलत नहीं थीं। वह एक अच्छा उद्देश्य था और बदलाव लाने के लिए उनकी बेचैनी की मैं प्रशंसा करता हूं, लेकिन कुछ गलतियां की गईं, जो बुरे इरादों से नहीं थीं, फिर भी गलतियां थीं।” इससे पहले वह बकिंघम पैलेस गये और किंग चार्ल्स से मुलाकात की। किंग ने उन्हें नियुक्त पत्र सौंपा और नई सरकार बनाने को कहा। किंग चार्ल्स और सुनक के बीच 31 मिनट तक बातचीत हुई। इस दौरान सुनक की पत्नी अक्षता भी मौजूद थीं। गीता पर हाथ रखकर शपथ लेने वाले ऋषि सुनक ईसाई बाहुल्य ब्रिटेन के पहले हिंदू प्रधानमंत्री हैं. यही नहीं, ऋषि सुनक ब्रिटेन के पहले गैर-श्वेत प्रधानमंत्री बने हैं.भारतीय मूल के ऋषि सुनक इतिहास रचते हुए यूके के नए प्रधानमंत्री बन गए हैं ऋषि सुनक को 180 से ज्यादा सांसदों को समर्थन बताया जा रहा है. ऋषि सुनक भारतीय मूल के ब्रिटेन के पहले प्रधानमंत्री हैं. 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 October 2022

सीएम केजरीवाल की नोटों पर श्री गणेश जी और श्री लक्ष्मी जी की तस्वीर छापने की मांग

भगवान श्री कृष्ण जी के आशीर्वाद से आप सभी के जीवन में हमेशा ख़ुशियाँ बनी रहें   आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक  दिल्ली के मुख्यमंत्री और अरविंद केजरीवाल ने कहा मैं केंद्र सरकार से  और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील करता हूं कि हमारे नए नोटों पर महात्मा गांधी के साथ ही श्री गणेश जी और श्री लक्ष्मी जी की तस्वीर भी छापी जाए। केजरीवाल के इस बयान को हिंदुत्व के कार्ड के तौर पर देखा जा रहा है।  हिमाचल प्रदेश और गुजरात में विधानसभा चुनाव होने हैं। दोनों ही राज्यों में आम आदमी पार्टी ने पूरा दम लगा रखा है। दोनों राज्यों में कांग्रेस कमजोर है और सत्तारूढ़ भाजपा का मुकाबला आम आदमी पार्टी से माना जा रहा है। इससे पहले बुधवार सुबह केजरीवाल ने ट्टीव किया, आप सभी को गोवर्धन पूजा की हार्दिक शुभकामनाएँ। भगवान श्री कृष्ण जी के आशीर्वाद से आप सभी के जीवन में हमेशा ख़ुशियाँ बनी रहें। जय श्री कृष्णा’उन्होंने कहा इंडोनेशिया जहां 80 प्रतिशत मुस्लिम रहते हैं इंडोनेशिया मुस्लिम राष्ट्र है वहां गणेश और लक्ष्मी जी को महत्व दिया जाता है तो भारत में क्यों नहीं नोटों पर छापना चाहिए। केजरीवाल  ने कहा  देश की अर्थव्यवस्था बहुत खराब स्थिति में है और इसे सुधारने के लिए देवी-देवताओं के आशीर्वाद की जरूरत है। जब मैं दिवाली के दिन पूजा कर रहा था, तब यह भाव मेरे मन में आया। यदि इंडोनेशिया अपने यहां करेंसी पर गणेश जी की फोटो लगा सकता है, तो हम क्यों नहीं?कांग्रेस ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए आम आदमी पार्टी को बीजेपी और आरएसएस की बी टीम बताया। संदीप दीक्षित ने कहा, अरविंद केजरीवाल को कोई समझ नहीं है। यह उनकी वोट की राजनीति है। अगर वह पाकिस्तान जाते हैं, तो वह यह भी कह सकता है कि मैं पाकिस्तानी हूं, इसलिए मुझे वोट दें। वहीं भाजपा ने केजरीवाल को ढोंगी करार दिया। पार्टी प्रवक्ता संवित पात्रा ने कहा, जब चुनाव नजदीक आता है तो केजरीवाल को हिंदुत्व की चिंता सताने लगती है। केजरीवाल ने अपने बयान में भाजपा और अन्य दलों को असुर की उपमा दी। उन्होंने कहा कि ये सभी पार्टियां हमारे पीछे पड़ी हैं। हम पर गलत आरोप लगाया जा रहे हैं। केंद्र में बैठी भाजपा की सरकार हमारे लोगों को फंसा रही है, ताकि हमें जनता की भलाई के काम न कर सके।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 October 2022

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कल नामांकन के अंतिम दिन

376 उम्मीदवारों ने पर्चे भरे , 29 अक्तूबर को नाम वापस लिए जा सकेंगे   हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन पत्र भरने के आखिरी दिन कल 376 उम्‍मीदवारों ने पर्चे भरे। 68 सदस्‍यों की विधानसभा के लिए कुल मिलाकर 630 उम्‍मीदवारों ने नामांकन पत्र भरे हैं। नामांकन पत्रों की जांच कल की जाएगी, जबकि 29 अक्‍टूबर तक नाम वापस लिए जा सकते हैं। नाम वापस लेने के बाद उम्‍मीदवारों की संख्‍या कम हो सकती है, क्‍योंकि कई उम्‍मीदवारों ने पार्टी के आधिकारिक उम्‍मीदवारों के कवरिंग उम्‍मीदवार के रूप में पर्चे भरे हैं। हिमाचल प्रदेश में विधानसभा के नए सदस्‍य चुनने के लिए 12 नवंबर को वोट डाले जाएंगे।मंगलवार को विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन करने के अंतिम दिन 384 उम्मीदवारों ने पर्चे भरे। 17 से 21 अक्तूबर तक 255 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल किए थे। नामांकन दाखिल करने के आखिरी दिन कुल्लू सदर से बीजेपी ने अपने प्रत्याशी को बदल दिया है. इससे पहले पार्टी ने चंबा शहर का भी प्रत्याशी बदला था और अब कुल्लू सदर से भी बदल दिया है. पार्टी ने पहले उम्मीदवारों की जारी की गई लिस्ट में कुल्लू सदर से महेश्वर सिंह को मैदान में उतारा था लेकिन अब उनका टिकट काट दिया गया है. मिली जानकारी के मुताबिक पार्टी ने अब नरोत्तम ठाकुर को कुल्लू सदर से नामित किया है.प्रदेश में अब कुल 639 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल कर दिए हैं। 27 अक्तूबर को नामांकन पत्रों की छंटनी होगी। 29 अक्तूबर को नाम वापस लिए जा सकेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 October 2022

महाराष्‍ट्र सरकार ने दीपावली के अवसर पर कईं नए कार्यक्रमों की घोषणा की

  विशेष दीपावली अनाज किट प्रदान करने की शुरुआत की गई  महाराष्‍ट्र में दीपावली अलग तरीके से मनायी जाती है। राज्‍य में यह उत्‍सव पांच दिन तक चलता है। इस दौरान धार्मिक, सामाजिक, सांस्‍कृतिक और साहित्यिक परम्‍पराओं से संबंधित कार्यक्रमों का आयोजन होता है। इस समारोह का एक महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा प्रात:काल संगीत का आनन्‍द लेना हैं, जिसे दिवाली पहट कहा जाता है। आज प्रात: काल के मुहूर्त को नरकासुर पर भगवान श्रीकृष्‍ण की विजय से जोड़कर देखा जाता है। विजय उत्‍सव के प्रतीक के रूप में सभी घरों में तेल के दिए जलाए जाते हैं और द्वार पर रंगोलिया सजायी जाती हैं। इस अवसर प्रात: कालीन पवित्र स्‍नान एक पुरानी परम्‍परा है। स्‍नान के बाद परिवार के सदस्‍यों के बाद अल्‍पाहार किया जाता है। दीपावली के अवसर पर राज्‍य में पत्रिकाओं के विशेष दीपावली अंकों के प्रकाशन की भी परम्‍परा है। इसका उद्देश्‍य पाठकों को उत्‍सव का साहित्यिक पक्ष प्रदान करना है। संस्‍कृत के विद्वान रचनाकार धनश्री लेले ने इस परम्‍परा के बारे में आकाशवाणी के श्रोताओं के लिए विशेष जानकारी दी। महाराष्‍ट्र में दीपावली उत्‍सव का एक प्रमुख आकर्षण उन ऐतिहासिक किलों की अनुकृतियां हैं, जिनका निर्माण बच्‍चे करते हैं। यह परम्‍परा मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी महाराज की विरासत से जुड़ी हुई है। दीपोत्‍सव के अवसर पर महाराष्‍ट्र में पवित्र नदियों के घाटों पर तीर्थ यात्रा की भी परम्‍परा है। सोलापुर जिले के पंढरपुर में चन्‍द्रभागा नदी के घाट पर इस अवसर पर एक हजार एक दिए जलाए जाते हैं। महाराष्‍ट्र सरकार और सामाजिक तथा राजनीतिक क्षेत्र के जाने-माने लोग इस अवसर पर मराठी संस्‍कृति पर आधारित विभिन्‍न कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं। महाराष्‍ट्र की नई सरकार ने दीपावली के अवसर पर कईं नए कार्यक्रमों की घोषणा की है। सरकार की ओर से विशेष दीपावली अनाज किट प्रदान करने की शुरुआत की गई है, जिसे आनन्‍द शीधा नाम दिया गया है। राशन की दुकानों पर कार्ड धारकों को इसके माध्‍यम से अनाज उपलब्‍ध कराया जाएगा। सरकार ने कोरोना महामारी के दौरान समर्पित स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों, परिवहन कर्मचारियों और शिक्षकों के सम्‍मान में उन्हें विशेष दिवाली बोनस देने की भी घोषणा की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 October 2022

भारत हमेशा ग्‍लोबल साउथ का समर्थन करेगा

   संयुक्‍त राष्‍ट्र प्रणाली को मजबूत बनाने का प्रयास रहेगा विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने कहा है कि भारत ग्‍लोबल साउथ का हमेशा समर्थन करेगा और संयुक्‍त राष्‍ट्र प्रणाली को मजबूत बनाने के प्रयास जारी रखेगा। संयुक्‍त राष्‍ट्र दिवस के अवसर पर उन्‍होंने कहा कि संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्‍य के रूप में भारत ने अपने कार्यकाल के दौरान समसामयिक चुनौतियों से निपटने के लिए शांतिपूर्ण बातचीत और राजनयिक उपायों पर बल दिया है। डॉ. जयशंकर ने कहा कि बहुपक्षवाद, कानून के शासन और निष्‍पक्षता तथा समानता पर आधारित अंतर्राष्‍ट्रीय प्रणाली पर ध्‍यान केन्द्रित करने के पीछे भारत का लक्ष्‍य संयुक्‍त राष्‍ट्र की प्रासंगिकता बनाए रखना है। उन्‍होंने कहा कि संयुक्‍त राष्‍ट्र का संस्‍थापक सदस्‍य होने के नाते भारत हमेशा इसके लक्ष्‍यों और सिद्धांतों के प्रति समर्पित रहा है। विदेश मंत्री ने कहा कि विश्‍व संगठन के चार्टर के लक्ष्‍यों को लागू करने में भारत का योगदान इसकी प्रतिबद्धता में झलकता है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 October 2022

पीएम मोदी ने जवानों के साथ मनाई दीवाली

  पीएम बनने के बाद  मानते है सेना के साथ दीवाली  पीएम नरेंद्र मोदी का काम करने का अपना अलग ही स्टाइल है।  दीवाली के  त्यौहार पर पीएम मोदी कारगिल पहुंचे।  जहां उन्होंने जवानों के साथ दिवाली मनाई। पीएम मोदी ने कहा हम सिविलियन लोगों की दिवाली ,हमारी आतिशबाजी अलग होती है। आपकी आतिशबाजी भी अलग और धमाके भी अलग होते हैं। पीएम मोदी ने कारगिल में जवानों से बात की।उन्होंने कहा  कि बिना शक्ति के शांति कायम करना संभव नहीं है। भारत ने हमेशा युद्ध को सबसे अंतिम उपाय माना है। युद्ध चाहे लंका में हुआ हो या कुरुक्षेत्र में, अंतिम समय तक उसे टालने की ही कोशिश की गई। हम विश्व शांति के पक्षधर हैं। आपको बता दें मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद हर साल जवानों के साथ दिवाली मनाते आए हैं। 2014 में पहली बार उन्होंने सियाचिन में सैनिकों के साथ दिवाली मनाई थी।  पीएम मोदी ने जवानों से कहा, 'मेरे लिए तो वर्षों-वर्ष से मेरा परिवार आप ही सब हैं। मेरी दीपावली की मिठास आप के बीच बढ़ जाती है, मेरी दीपावली का प्रकाश आपके बीच है और अगली दिवाली तक मेरा पद प्रशस्त करता है। शौर्य की अप्रतिम गाथाओं के साथ ही हमारी परंपरा, मधुरता और मिठास भी अहम है। इसलिए भारत अपने त्योहारों को प्रेम के साथ मनाता है। पूरी दुनिया को उसमें शामिल करके मनाता है।' दिवाली का मतलब है- आतंक के अंत का उत्सव। यही कारगिल ने भी किया था। कारगिल में हमारी सेना ने आंतक के फन को कुचला था और देश में जीत की ऐसी दिवाली मनी थी कि लोग आज भी याद करते हैं। 'मेरा सौभाग्य था कि मैं उस जीत का साक्षी बना था और मैंने उस युद्ध को करीब से देखा था। मैं यहां के अधिकारियों का आभारी हूं कि उन्होंने मुझे 23 साल पुरानी तस्वीरें दिखाकर वो पल मुझे याद दिलाए। देश के एक सामान्य नागरिक के तौर पर मेरा कर्तव्य मुझे जंग के मैदान तक ले आया था। हम जो भी मदद कर सकते थे, वही करने यहां आए थे। हम बस पुण्य कमाने आए थे।' हमारे जवान सीमा पर कवच बनकर खड़े हुए हैं तो देश के भीतर देश के दुश्मनों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई हो रही है। आतंकवाद, नक्सलवाद आदि जो जड़े बीते वर्षों में पनपी थी उसे उखाड़ने का सफल प्रयास देश निरंतर प्रयास कर रहा है। कभी नक्सलवाद ने देश के एक बड़े हिस्से को अपनी गिरफ्त में ले लिया था, लेकिन आज वो दायरा सिमट रहा है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 October 2022

ऋषि सुनक का ब्रिटेन पीएम बनना लगभग तय है

ऋषि सुनक और पेनी के बीच है मुकाबला  ब्रिटेन में राजनीति ने एक बार फिर करवट बदली है।  लिज ट्रस के इस्तीफे के बाद अब ऋषि सुनक का ब्रिटेन का अगला PM बनना तय माना जा रहा है। पीएम की रेस में  पेनी मॉरडॉन्ट का  नाम सामने आया था।  जॉनसन भी  रेस से बाहर हो गए हैं। बोरिस जॉनसन ने प्रधानमंत्री रेस से अपना नाम वापस लेने से पहले कहा था कि उनके पास 60 सांसदों का समर्थन है। बोरिस ने ये कहते हुए नाम वापस लिया कि अगर संसद में पार्टी ही एकजुट नहीं होगी तो अच्छे से सरकार नहीं चलाई जा सकेगी। हम चुने गए PM का समर्थन करेंगे।अब  मुकाबला ऋषि सुनक और पेनी के बीच रह गया है।  आपको बता दें ब्रिटेन की संसद में 357 सांसद हैं। नियम के मुताबिक, प्रधानमंत्री बनने के लिए 100 से ज्यादा सांसदों का समर्थन होना जरूरी है। अब लगभग सुनक का पीएम बनना तय है।  अगर ऐसा हुआ तो सुनक  28 अक्टूबर को ब्रिटेन के नए पीएम के तौर पर शपथ लेंगे।  इसके बाद 29 अक्टूबर को नई कैबिनेट का गठन होगा। इस मौके पर  ऋषि सुनक ने कहा- बोरिस जॉनसन ने ब्रेक्सिट और वैक्सीन रोल-आउट जैसे अहम फैसले लिए। उन्होंने सबसे कठिन चुनौतियों का सामना करने में देश की मदद की। हम इनके आभारी रहेंगे। उन्होंने फिर से पीएम चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है। लेकिन मुझे उम्मीद है कि वो देश के लिए योगदान देना जारी रखेंगे। वहीं  सुनक के बाद ब्रिटिश हाउस ऑफ कॉमंस की स्पीकर पेनी मॉरडॉन्ट हैं। पेनी मॉरडॉन्ट को सुनक का नंबर-2 माना जा रहा है। उधर माना ये भी जा रहा है कि बार-बार PM बदलने से सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी की छवि धूमिल  हो रही है। विपक्षी लेबर पार्टी की लोकप्रियता  बढ़ गई है। लेकिन अभी भी ब्रिटेन में नए चुनाव के लिए दो साल का समय है। कंजरवेटिव पार्टी के पास अभी काफी वक्त है की वे पार्टी की छवि भी सुधार सकते हैं।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 October 2022

जम्मू-कश्मीर में 15 नए वर्गों को शामिल कर सामाजिक जाति सूची का विस्तार

आरक्षण नियमों के अन्तर्गत सामाजिक जातियों को सरकारी नौकरियों में चार प्रतिशत आरक्षण प्राप्त है केन्द्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में 15 नए वर्गों को शामिल कर सामाजिक जाति सूची का विस्तार किया गया है।मौजूदा सामाजिक जातियों की सूची में उनके नामों को प्रतिस्थापित करके कुछ संशोधन भी किए हैं। जम्मू-कश्मीर सरकार के आरक्षण नियमों के अन्तर्गत सामाजिक जातियों को सरकारी नौकरियों में चार प्रतिशत आरक्षण प्राप्त है। जम्मू-कश्मीर सामाजिक और शैक्षिक रूप से पिछड़ा वर्ग आयोग की सिफारिशों पर सामाजिक जाति सूची को फिर से तैयार किया गया है। इस आयोग का गठन 2020 में किया गया था। रक्षा राज्‍य मंत्री ने जम्‍मू-कश्‍मीर के उधमपुर में उत्‍तरी कमान मुख्‍यालय का दौरा किया रक्षा राज्‍य मंत्री अजय भट्ट ने आज जम्‍मू-कश्‍मीर के उधमपुर में उत्‍तरी कमान मुख्‍यालय का दौरा किया। हमारे संवाददाता ने खबर दी है कि केन्‍द्रीय मंत्री ने वहां वरिष्‍ठ अधिकारियों से मुलाकात की और रक्षा से संबंधित विभिन्‍न मुद्दों पर विचार-विमर्श किया। उन्‍होंने देश के लिए अपने जीवन की आहूति देने वाले वीर जवानों को ध्रुव युद्ध स्मारक पर मालार्पण कर उन्‍हें श्रद्धांजलि अर्पित की। भट्ट ने शौर्य दिवस मोटरसाइकिल रैली को झंडी दिखाकर रवाना किया। 1947-48 के युद्ध के दौरान भारतीय सेना के श्रीनगर में उतरने के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्‍य में इस रैली का आयोजन किया गया। इस रैली का समापन नई दिल्‍ली स्थित राष्‍ट्रीय समर स्‍मारक पर 27 अक्‍टूबर 2022 को होगा। अजय भट्ट ने जम्‍मू-कश्‍मीर और लद्दाख में तैनात सेना के साहस और उसकी निस्‍वार्थ सेवा की सराहना भी की।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 October 2022

इसरो ने ब्रिटिश कंपनी वनवेब के 36 उपग्रहों का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया

  भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो ने प्रक्षेपण यान लॉन्‍च व्हिकल मार्क-3 से किया लांच    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन- इसरो ने  आज तड़के अपने पहले वाणिज्यिक मिशन के तहत प्रक्षेपण यान मार्क-3 एम2 से 36 उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण किया। विदेशी कंपनी वनवेब के उपग्रह आंध्रप्रदेश के श्रीहरिकोटा सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से प्रक्षेपित किए गए। प्रक्षेपण के बाद इसरो अध्यक्ष एस. सोमनाथ ने कहा कि यह अवसर अंतरिक्ष केंद्र में उपस्थित सभी लोगों के लिए शुभ दीपावली है। उन्होंने कहा कि उपग्रहों को सफलतापूर्वक अलग किया गया और लक्षित कक्षा में पहुंचा दिया गया। न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक डी. राधाकृष्णन ने कहा कि इसरो ने अपना यह जटिल मिशन तीन से चार महीने की अवधि में पूरा किया। पूरे मिशन के दौरान इसरो की तकनीकी क्षमता उल्लेखनीय और उच्च स्तर से पेशेवर रही। मिशन निदेशक थैडियस भास्करन ने कहा कि मिशन टीम ने अपनी सर्वोत्तम क्षमता और संबंधित ग्राहक के साथ समन्वय से कठिन कार्य पूरा किया। प्रत्येक उपग्रह हर एक सौ नौ मिनट में धरती का चक्कर लगाएगा। यह मिशन पूरा हो जाने पर कुल 588 उपग्रह कार्यरत होंगे। इस मिशन से दूरसंचार और संबंधित सेवाओं की क्षमता बढ़ेगी।इसरो अध्यक्ष ने बताया कि चंद्रयान मिशन अगले वर्ष संपन्न होगा। श्रीहरिकोटा केंद्र में संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने बताया कि तमिलनाडु के कुलशेखरनपट्टिनम में नया लांच पैड बनाया जाएगा। वनवेब के सुनील मित्तल ने कहा कि इस प्रक्षेपण यान से वाणिज्यिक उपग्रह प्रक्षेपण की इसरो की क्षमता में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भरोसा बढ़ेगा

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 October 2022

पीएम आवास योजना के अंतर्गत साढे़ तीन करोड़ से अधिक परिवारों को घर दिए गए

पीएम आवास योजना का लाभ पिछले आठ वर्षों में घर दिए गए    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मध्य प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत साढ़े चार लाख से अधिक लाभार्थियों के गृह प्रवेश में भाग लिया।  मोदी ने पीएम- आवास योजना के अंतर्गत निर्मित इन आवासों का वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से उद्घाटन किया।  प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले आठ वर्ष में इस योजना के अंतर्गत साढ़े तीन करोड़ से अधिक निर्धन परिवारों को नए मकान मिले हैं। उन्होंने कहा कि सरकार निर्धन और वंचित वर्गों के कल्याण और उन्हें हर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। किसानों को अधिकतम सुविधाएं देने का सरकार का लक्ष्य स्पष्ट करते हुए पीएम  मोदी ने कहा कि सभी खाद्य वितरण दुकानों को प्रधानमंत्री किसान समृद्धि केंद्रों में बदला जा रहा है। किसानों के उपयोग की प्रत्येक सामग्री अब इन केंद्रों से उपलब्ध होगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि यूरिया उर्वरकों के चयन में किसानों को होने वाली समस्याओं के समाधान के लिए जल्दी ही सभी उर्वरक भारत ब्रांड नाम से उपलब्ध होंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 October 2022

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने रोजगार मेला में नियुक्ति पत्र प्राप्त करने वाले को बधाई दी

डॉ. जितेन्‍द्र सिंह ने नव-नियुक्‍त युवाओं को सरकारी नौकरी के नियुक्ति पत्र सौंपे   केन्‍द्रीय मंत्री डॉक्‍टर जितेन्‍द्र सिंह ने आज नई दिेल्‍ली में रोजगार मेला के पहले चरण में विभिन्‍न मंत्रालयों और विभागों और स्‍वायत्‍तशासी निकायों में नव-नियुक्‍त युवाओं को सरकारी नौकरी के नियुक्ति पत्र सौंपे। समारोह के दौरान पांच सौ तीस से अधिक युवाओं को ये पत्र सौंपे गये। नवनियुक्‍त करीब 40 युवाओं को जितेन्‍द्र सिंह ने स्‍वयं पत्र सौंपे। समारोह‍ को वर्चुअली सम्‍बोधित करते हुए श्री सिंह ने कहा कि यह मेगा रोजगार अभियान प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के संकल्‍प से सिद्धि के मंत्र को पूरा करता है।  केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने आज रोजगार मेला में नियुक्ति पत्र प्राप्त करने वाले युवाओं को बधाई दी है। मुंबई में आयोजित कार्यक्रम में गोयल ने युवाओं से आग्रह किया कि वे इस बात को ध्‍यान में रखें कि उन्‍होने नौकरी लगने से पहले सरकारी कर्मचारियों और कार्यालयों से क्‍या अपेक्षाएं की थी। गोयल ने कामकाज की प्रवृत्ति सुधारने के बारे में भी सुझाव और राय मांगी। उन्होंने राष्ट्र के विकास के लिए सभी की सामूहिक भागीदारी का अनुरोध किया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 October 2022

एफएटीएफ ने म्यांमा को "प्रतिबंधित सूची" में डाला

  मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवाद के लिए धन मुहैया कराने वालों पर कार्रवाई पर कमजोरी    मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवादियों को धन मुहैया कराने संबंधी निगरानी संस्था - वित्तीय कार्रवाई कार्यबल - एफएटीएफ ने  म्यांमा को "प्रतिबंधित सूची" में डाल दिया है। इस सूची में उन देशों को शामिल किया जाता है जहां मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवाद के लिए धन मुहैया कराने वालों पर कार्रवाई के लिए कमजोर नियामक ढांचा है। फरवरी 2020 में म्यांमा ने इस संबंध में अपनी कार्यनीतिक कमियों को दूर करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की थी, लेकिन इससे संबंधित उसकी कार्य योजना सितंबर 2021 में समाप्त हो गई। एफएटीएफ ने कहा है कि म्यांमा ने इस दिशा में कोई प्रगति नहीं की और कार्य योजना की समय सीमा से एक साल बाद भी वांछनीय प्रयास नहीं किए गए। कार्यबल ने म्यांमा से कानून प्रवर्तन एजेंसी की जांच में वित्तीय खुफिया का उपयोग बढाने और उसकी इकाइयों का परिचालन विश्लेषण तथा विस्तार करने का भी आग्रह किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 October 2022

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोजगार मेले का शुभारंभ किया

  75 हजार से अधिक नवनियुक्‍त कर्मियों को नियुक्ति पत्र सौंपे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दस लाख कर्मियों के लिए एक विशाल भर्ती अभियान रोजगार मेले का शुभारंभ किया। इस अवसर पर पहले चरण में केंद्र सरकार के विभिन्न पदों के लिए 75 हजार नवनियुक्त कर्मियों को नियुक्ति पत्र सौंपे गए। प्रधानमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से नवनियुक्‍त कर्मियों को संबोधित करते हुए कहा कि युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने की दिशा में यह एक महत्‍वपूर्ण कदम है। उन्होंने कहा कि पिछले आठ वर्षों में सरकार ने रोजगार और स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए कई कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि देश हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि विकसित राष्ट्र बनने का लक्ष्य सभी के योगदान से हासिल किया जा सकता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत अब पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। आठ वर्षों में किए गए सुधारों की वजह से ही यह उपलब्धि हासिल हुई है। उन्होंने कहा कि सरकार ने देश में बुनियादी ढांचे के विकास पर एक सौ लाख करोड़ रुपये खर्च करने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने कहा कि देश में मजबूत बुनियादी ढांचा तैयार करने से लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा हो रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि युवा देश की ताकत हैं और केंद्र सरकार उन्हें रोजगार उपलब्ध कराने के लिए कई मोर्चों पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि युवाओं के कौशल विकास पर ध्यान केंद्रित करने, स्वरोजगार की पहल का समर्थन, ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने, स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र के लिए अनुकूल माहौल बनाने तथा बुनियादी ढांचे के विकास ने विभिन्न स्तरों पर रोजगार के अवसर पैदा किए हैं। उन्होंने कहा कि एक करोड़ 50 लाख युवाओं को कौशल विकास का प्रशिक्षण दिया गया है और खादी तथा ग्रामोद्योग क्षेत्र में एक करोड़ रोजगार के अवसर पैदा हुए हैं। उन्होंने कहा कि कुछ ही वर्षों में देश में 80 हजार स्टार्टअप सामने आए हैं और लाखों लोग इन स्टार्टअप्स में काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मनरेगा से सात करोड़ लोगों को रोजगार मिला है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि मजबूत डिजिटल बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने और 5जी नेटवर्क के विस्तार से लोगों के लिए अधिक रोजगार मिलेगा। मोदी ने कहा कि भारत मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर भारत अभियान के साथ नई ऊंचाइयों को छू रहा है। उन्होंने कहा कि निर्यात में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है और देश विभिन्न क्षेत्रों में वैश्विक केंद्र बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि रिकॉर्ड निर्यात दर्शाता है कि हर क्षेत्र में रोजगार के कई नए अवसर पैदा हुए हैं। श्री मोदी ने कहा कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन से इस साल अगस्त में करीब 17 लाख सदस्य जुडे हैं। प्रधानमंत्री ने नव नियुक्‍त कर्मियों को बधाई देते हुए कहा कि देश के कर्मयोगियों के प्रयासों से सरकारी विभागों की दक्षता बढ़ी है। उन्होंने सभी को धनतेरस की बधाई दी। कार्मिक, लोक शिकायत, पेंशन राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि यह ऐतिहासिक दिन है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में युवाओं के कल्याण और उन्हें विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए कई फैसले लिए गए हैं। सभी मंत्रालय और विभाग विशेष अभियान के तहत स्वीकृत रिक्‍त पदों को भरने की दिशा में काम कर रहे हैं। ये भर्तियां केंद्र सरकार के 38 मंत्रालयों और विभागों में की जा रही हैं। इनमें ग्रुप ए, बी और सी वर्ग में केंद्रीय सशस्त्र बल के जवान, सब इंस्पेक्टर, कांस्टेबल, एलडीसी, स्टेनो, इनकम टैक्स इंस्पेक्टर और एमटीएस शामिल हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 October 2022

ब्रिटेन की पीएम लिज ट्रस ने सात सप्‍ताह से कम समय में अपने पद से इस्‍तीफा दिया

  कंजरवेटिव पार्टी का नेता और नया प्रधानमंत्री चुनने के लिए राजनीतिक गतिविधियां बढ़ी  ब्रिटेन की प्रधानमंत्री लिज़ ट्रस ने इस्‍तीफा दे दिया है। वह सात सप्‍ताह से भी कम समय प्रधानमंत्री पद पर रहीं। अपने सरकारी कार्यालय टेन डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर संवाददाताओं से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि वह उन अपेक्षाओं पर खरी नहीं उतर पायीं, जिसके लिए उन्हें चुना गया था।  ट्रस ने कहा कि उनकी कंजरवेटिव पार्टी अगले सप्ताह तक अपना नया नेता चुन लेगी। 46 वर्षीय सुट्रस प्रधानमंत्री पद पर केवल 45 दिन ही रह पायीं। ये ब्रिटेन में किसी भी प्रधानमंत्री का सबसे छोटा कार्यकाल रहा।इससे पहले आज दिन में कंजरवेटिव पार्टी के अधिकारी डाउनिंग स्ट्रीट में इकट्ठा हुए और प्रधानमंत्री पर इस्तीफे का दबाव बनाया।  ब्रिटेन में प्रधानमंत्री लिज़ ट्रस के इस्‍तीफा देने के बाद कंजरवेटिव पार्टी का नेता और नया प्रधानमंत्री चुनने के लिए राजनीतिक गतिविधियां बढ़ गई हैं। सभी की नज़र अब कंजरवेटिव पार्टी नेता ऋषि सुनक, सुएला ब्रेरवमैन और पेन्‍नी मोरडांट पर हैं। पार्टी के पिछले चुनाव में दूसरे स्‍थान पर रहे ऋषि सुनक अब प्रधानमंत्री पद के लिए पसंदीदा उम्‍मीदवारों में से हैं। पिछले महीने की छह तारीख को पदभार ग्रहण करने के बाद राजनीतिक उथल-पुथल के बीच ट्रस को अपनी वित्तमंत्री और निकटतम सहयोगी क्वाज़ी क्वार्टेंग को हटाना पड़ गया था। इसके बाद हाल ही में गृहमंत्री के भी इस्तीफा दे देने से उनके लिए संकट और गहरा गया। इससे पहले ही  ट्रस को प्रधानमंत्री पद से हटाने की मुहिम शुरू हो चुकी थी और कई सांसदों ने खुलकर उनका इस्तीफ़ा मांगा था। लिज़ ट्रस के हट जाने के साथ ही उनके राजनीतिक प्रतिद्वंदी और ब्रिटेन के पूर्व वित्तमंत्री ऋषि सुनक के अलावा पेनीमोरडॉन्ट और ब्रिटेन के रक्षा मंत्री बेन वालेस प्रधानमंत्री पद के पसंदीदा उम्मीदवार माने जा रहे हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 October 2022

ब्रिटेन की पीएम लिज ट्रस ने सात सप्‍ताह से कम समय में अपने पद से इस्‍तीफा दिया

  कंजरवेटिव पार्टी का नेता और नया प्रधानमंत्री चुनने के लिए राजनीतिक गतिविधियां बढ़ी  ब्रिटेन की प्रधानमंत्री लिज़ ट्रस ने इस्‍तीफा दे दिया है। वह सात सप्‍ताह से भी कम समय प्रधानमंत्री पद पर रहीं। अपने सरकारी कार्यालय टेन डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर संवाददाताओं से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि वह उन अपेक्षाओं पर खरी नहीं उतर पायीं, जिसके लिए उन्हें चुना गया था।  ट्रस ने कहा कि उनकी कंजरवेटिव पार्टी अगले सप्ताह तक अपना नया नेता चुन लेगी। 46 वर्षीय सुट्रस प्रधानमंत्री पद पर केवल 45 दिन ही रह पायीं। ये ब्रिटेन में किसी भी प्रधानमंत्री का सबसे छोटा कार्यकाल रहा।इससे पहले आज दिन में कंजरवेटिव पार्टी के अधिकारी डाउनिंग स्ट्रीट में इकट्ठा हुए और प्रधानमंत्री पर इस्तीफे का दबाव बनाया।  ब्रिटेन में प्रधानमंत्री लिज़ ट्रस के इस्‍तीफा देने के बाद कंजरवेटिव पार्टी का नेता और नया प्रधानमंत्री चुनने के लिए राजनीतिक गतिविधियां बढ़ गई हैं। सभी की नज़र अब कंजरवेटिव पार्टी नेता ऋषि सुनक, सुएला ब्रेरवमैन और पेन्‍नी मोरडांट पर हैं। पार्टी के पिछले चुनाव में दूसरे स्‍थान पर रहे ऋषि सुनक अब प्रधानमंत्री पद के लिए पसंदीदा उम्‍मीदवारों में से हैं। पिछले महीने की छह तारीख को पदभार ग्रहण करने के बाद राजनीतिक उथल-पुथल के बीच ट्रस को अपनी वित्तमंत्री और निकटतम सहयोगी क्वाज़ी क्वार्टेंग को हटाना पड़ गया था। इसके बाद हाल ही में गृहमंत्री के भी इस्तीफा दे देने से उनके लिए संकट और गहरा गया। इससे पहले ही  ट्रस को प्रधानमंत्री पद से हटाने की मुहिम शुरू हो चुकी थी और कई सांसदों ने खुलकर उनका इस्तीफ़ा मांगा था। लिज़ ट्रस के हट जाने के साथ ही उनके राजनीतिक प्रतिद्वंदी और ब्रिटेन के पूर्व वित्तमंत्री ऋषि सुनक के अलावा पेनीमोरडॉन्ट और ब्रिटेन के रक्षा मंत्री बेन वालेस प्रधानमंत्री पद के पसंदीदा उम्मीदवार माने जा रहे हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 October 2022

पीएम मोदी ने उत्‍तराखण्‍ड में कई विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखी

  केदारनाथ और ब्रदीनाथ धाम आकर और आशीर्वाद पाकर धन्‍य हो गये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि वे केदारनाथ और ब्रदीनाथ धाम आकर और आशीर्वाद पाकर धन्‍य हो गये। चमोली जिले के माणा गांव में जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि नये रोप-वे के निर्माण से गौरीकुंड से केदारनाथ की दूरी कम होगी और तीर्थयात्रिओं को सुविधा होगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज सवेरे उत्तराखंड में केदारनाथ और बद्रीनाथ धामों में पूजा-अर्चना की।  मोदी ने उत्तराखंड के विकास के लिए 34 अरब रुपये से अधिक की संपर्क परियोजनाओं की आधारशिला रखी। इनमें गौरीकुंड से केदारनाथ और गोविंद घाट से हेमकुंड साहिब को जोड़ने वाली दो नई रोपवे परियोजनाएं शामिल हैं।  मोदी लगभग एक हजार करोड़ रुपये की लागत से सड़क चौड़ीकरण परियोजनाओं का शिलान्यास भी करेंगे, जिससे सीमावर्ती क्षेत्रों में सभी मौसम के अनुकूल सड़क संपर्क उपलब्ध होगा। इन परियोजनाओं से गढ़वाल क्षेत्र में संपर्क और धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। मोदी मंदाकिनी आस्थापथ और सरस्वती आस्थापथ के विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा भी करेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 October 2022

पिछले कुछ वर्षों में देश के आंतरिक सुरक्षा परिदृश्‍य में सकारात्‍मक बदलाव आया

हर साल 21 अक्‍तूबर को पुलिस स्‍मृति दिवस मनाया जाता है गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि पिछले कुछ वर्षों में देश के आंतरिक सुरक्षा परिदृश्‍य में सकारात्‍मक बदलाव आया है। उन्‍होंने कहा कि पिछले आठ वर्षों में पूर्वोत्‍तर, जम्‍मू-कश्‍मीर और वाम-उग्रवाद से प्रभावित क्षेत्रों में हिंसक घटनाओं में काफी कमी आई है।शाह ने पुलिस स्‍मृति दिवस पर दिल्‍ली में राष्‍ट्रीय पुलिस स्‍मारक पर शहीद पुलिस कर्मियों को श्रद्धाजंलि अर्पित की।गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेृतत्‍व में देश की आंतरिक सुरक्षा को मजबूत करने के लिए कई कदम उठाए गए हैं। उन्‍होंने कहा कि पहले पूर्वोत्‍तर क्षेत्र में सशस्‍त्र बलों को विशेषाधिकार दिए जाते थे, जबकि अब युवाओं को प्रगति के लिए विशेषाधिकार मिल रहा है।   सर्वोच्‍च बलिदान करने वाले देश के पुलिस कर्मियों के सम्‍मान में हर साल 21 अक्‍तूबर को पुलिस स्‍मृति दिवस मनाया जाता है। वर्ष 1959 में आज ही के दिन भारत चीन सीमा पर भारी हथियारों से लैस चीनी सेना द्वारा घात लगाकर किए गए हमले में केन्‍द्रीय रिजर्व पुलिस बल के दस जवान शहीद हुए थे। पिछले एक वर्ष के दौरान 264 पुलिस कर्मियों ने सर्वोच्‍च बलिदान किया है, जबकि अब तक 36 हजार 59 बहादुर पुलिस कर्मियों ने अपना कर्तव्‍य निभाते हुए प्राणों की आहुति दी है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 October 2022

शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने नई दिल्ली में राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा का उद्घाटन किया

  पचास केंद्रीय विद्यालय "बालवाटिका" कार्यक्रम को प्रायोगिक परियोजना के रूप में शुरू कर रहे    केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने आज नई दिल्ली में फाउंडेशनल स्टेज 2022 के लिए राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा का शुभारंभ किया। यह भारत में शिक्षा पद्धति के लिए पाठ्यक्रम, पाठ्यपुस्तकों और शिक्षण पद्धतियों के लिए  दिशानिर्देशों के बारे में है। प्रधान ने इस अवसर पर कहा कि स्कूली विद्यार्थियों के लिए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम की रूपरेखा तैयार करना राष्ट्रीय शिक्षा नीति दो हजार बीस का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। उन्होंने कहा कि आज का दिन भारत में शिक्षा नीति के लिए ऐतिहासिक है क्योंकि यह पाठ्यक्रम देश में एकसमान और सुलभ शिक्षा के रूप में होगा। श्री प्रधान ने कहा कि यह रूपरेखा पहले पांच वर्षों में विद्यार्थियों के लिए काफी महत्वपूर्ण होगी। प्रधान ने आशा व्यक्त की कि आने वाले वर्षों में देश का प्रत्येक स्कूल राष्ट्रीय पाठ्यक्रम प्रारूप को लागू करेगा। उन्होंने इस अवसर पर केंद्रीय विद्यालयों के लिए बालवाटिका कार्यक्रम का भी शुभारंभ किया। प्रधान ने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों के पचास केंद्रीय विद्यालय आज से "बालवाटिका" कार्यक्रम को प्रायोगिक परियोजना के रूप में शुरू कर रहे हैं। उन्होंने उत्तराखंड के चार हजार सरकारी स्कूलों में यह कार्यक्रम शुरू करने के लिए राज्य सरकार की  सराहना की।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 October 2022

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा-भारतीय रक्षा क्षेत्र के लिए यह समय स्वर्णिम काल

  निवेशकों के लिए अनुकूल माहौल बनाने पर जोर   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय रक्षा क्षेत्र के लिए यह समय स्वर्ण काल है। गुजरात के गांधी नगर में महात्मा मंदिर सम्मेलन और प्रदर्शनी केन्‍द्र में रक्षा प्रदर्शनी- 2022 के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्‍होंने यह बात कही। इस कार्यक्रम में घरेलू और विदेशी संस्थागत निवेशकों ने भाग लिया। रक्षा मंत्री ने कहा कि भारतीय उद्योगों ने प्रदर्शनी में लड़ाकू विमानों, विमानवाहक पोत, मुख्य युद्धक टैंकों और लड़ाकू हेलीकॉप्टरों का निर्माण कर अपनी क्षमता का प्रदर्शन किया है। उन्होंने निवेशकों के लिए अनुकूल माहौल बनाने पर जोर दिया। इससे वे अच्‍छे परिणाम दे सकेंगे और घरेलू और वैश्विक बाजारों में पहचान भी मिलेगी।  सिंह ने कहा कि अपने उद्योगों को घरेलू बाजार में अनुचित विदेशी प्रतिस्पर्धा से बचाने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। इसके अलावा विदेशों में भी घरेलू व्यापार के लिए बाजार की पहुंच प्राप्त करने के प्रयास किया जा रहे हैं। यह कार्यक्रम भारतीय उद्योग और विदेशी मूल के उपकरण निर्माताओं को देश के रक्षा क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा देने के लिए आयोजित किया गया था।। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 October 2022

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के केवड़िया में मिशन लाइफ अभियान की शुरुआत की

जलवायु परिवर्तन केवल नीति-से जुडा मुद्दा नहीं   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पर्यावरण की रक्षा के लिए जीवनशैली में बदलाव का आह्वान किया है। गुजरात में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी में मिशन लाइफ के वैश्विक शुभारंभ के बाद अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि जीवनशैली में बदलाव से जलवायु परिवर्तन को कम किया जा सकता है। जलवायु परिवर्तन के खतरे से निपटने के लिए भारत की प्रतिबद्धता दोहराते हुए  मोदी ने कहा कि हजारों वर्षों से कम उपयोग, पुन: उपयोग, पुनर्चक्रण और चक्रीय अर्थव्यवस्था, भारतीय संस्कृति का अभिन्न अंग रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत, पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ विकास का सबसे अच्छा उदाहरण है। महात्मा गांधी की संरक्षण की अवधारणा को याद करते हुए मोदी ने कहा कि मिशन लाइफ हमे पर्यावरण का संरक्षक बनने के लिए प्रोत्साहित करता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि जलवायु परिवर्तन केवल नीति-से जुडा मुद्दा नहीं है। उन्होंने जलवायु परिवर्तन की समस्या से निपटने के लिए संयुक्त प्रयासों पर जोर दिया। मोदी ने कहा कि मिशन लाइफ ग्रह हितैषी लोगों की अवधारणा को मजबूत करता है। उन्होंने अक्षय ऊर्जा और पर्यावरण संरक्षण की दिशा में गुजरात सरकार के प्रयासों की सराहना की। प्रधानमंत्री ने कई अन्य पहलों की भी चर्चा की। संयुक्त राष्ट्र महासचिव अंतोनियो गुतरस ने इस अवसर पर विकसित देशों से अपनी जलवायु प्रतिबद्धताओं को निभाने और भारत जैसे देशों को सार्थक वित्तीय तथा तकनीकी सहायता प्रदान करने का आग्रह किया। उन्होंने पृथ्वी की रक्षा के लिए समाधान खोजने में व्यक्तियों और समुदायों की भागीदारी पर जोर दिया। प्रधानमंत्री ने केवड़िया में मिशन प्रमुखों के सम्मेलन में भी भाग लिया। उनका आज दक्षिण गुजरात के तापी जिले के व्यारा में एक हजार 970 करोड़ रुपये की लागत की परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करने का भी कार्यक्रम है

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 October 2022

तेलंगाना राष्‍ट्र समिति के पूर्व सांसद बूरा नरसैय्या गौड़ भाजपा में शामिल

तेलंगाना के विकास के लिए काम करना जारी रखेंगे   तेलंगाना राष्‍ट्र समिति के पूर्व सांसद बूरा नरसैय्या गौड़ और कई अन्य नेता आज भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। उन्हें नई दिल्ली में भाजपा मुख्यालय में केंद्रीय मंत्रियों भूपेंद्र यादव और जी किशन रेड्डी तथा अन्य वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में पार्टी में शामिल किया गया। इस अवसर पर  गौड़ ने कहा कि वे तेलंगाना के विकास के लिए काम करना जारी रखेंगे। यादव ने विश्वास व्यक्त किया कि भाजपा राज्य में अगला विधानसभा चुनाव जीतेगी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 October 2022

नवीकरणीय ऊर्जा न केवल जलवायु परिवर्तन से निपटने का साधन है बल्कि जीवाश्म ईंधन का एक विकल्प भी

चुनौतियों से निपटने के लिए हमें नवीकरणीय ऊर्जा में वृद्धि करने की आवश्‍यकता   केन्‍द्रीय नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने कहा है कि नवीकरणीय ऊर्जा न केवल जलवायु परिवर्तन से निपटने का एक साधन है, बल्कि यह जीवाष्‍म ईंधन का भी एक विकल्‍प है। वे आज नई दिल्‍ली में अंतर्राष्‍ट्रीय सौर गठबंधन की बैठक में स्‍वच्‍छ ऊर्जा परिवर्तन के लिए नई प्रौद्योगिकी से संबंधित उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि नवीकरणीय ऊर्जा सर्वश्रेष्‍ठ विकल्‍प है और  हरसंभव तरीके से इसका विस्‍तार करने की आवश्‍यकता है। ऊर्जा भण्‍डारण क्षमता पर चिन्‍ता व्‍यक्‍त करते हुए सिंह ने कहा कि हालांकि यह व्‍यवस्था महंगी है, लेकिन सरकार ऐसी चुनौतियों से निपटने के लिए और अधिक भंडारण केन्‍द्र स्‍थापित कर रही है। सिंह ने विश्‍व के नेताओं से भण्‍डारण केन्‍द्र बढाने का अनुरोध किया और कहा कि ऐसा करने पर ऊर्जा की कीमतें अपने आप कम हो जाएंगी। उन्‍होंने कहा कि ऐसी चुनौतियों से निपटने के लिए हमें नवीकरणीय ऊर्जा में वृद्धि करने की आवश्‍यकता है और सरकार इस दिशा में काम कर रही है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 October 2022

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतरश ने मुंबई आतंकी हमले के मृतकों को श्रद्धांजलि दी

कोविड महामारी के दौरान भारत की भूमिका की सराहना की     संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतरेस कल रात भारत यात्रा पर मुम्बई पहुंचे। उन्होंने आज मुम्बई में 26/11 हमले में मारे गए लोगों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मुम्बई में भारत-अमरीका साझेदारी मजबूत करने में दक्षिणी सहयोग पर एक कार्यक्रम में  गुतरेस ने कहा कि भारत हमेशा विकासशील देशों की चिंताओं को दूर करने और आकांक्षाओं को पूरा करने का हिमायती रहा है। उन्होंने कहा कि भारत ने अपनी विकास यात्रा के तहत खाद्य आधारित सामाजिक सुरक्षा योजना, स्वच्छ पानी उपलब्ध कराने और स्वच्छता सेवाओं जैसे बडे कार्यक्रम चलाकर विशेष छाप छोडी है। उन्होंने बताया कि भारत ने संयुक्त राष्ट्र मिशनों के लिए बडी संख्या में सैन्य और पुलिस उपलब्ध कराये हैं। इनमें शांति रक्षक मिशन में पहला महिला पुलिस दल उपलब्ध कराना शामिल है। उन्होंने कहा कि 1948 से अब तक दो लाख से अधिक भारतीय पुरुषों और महिलाओं ने 49 शांति अभियानों में सेवाएं दी हैं। गुतरेस ने जलवायु परिवर्तन, कोविड महामारी, रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे संघर्ष से मानव जाति पर पड़ने वाले प्रभाव पर गंभीर चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि पुराने और नए संघर्षों ने दुनिया भर में दस करोड़ से अधिक लोगों को विस्थापित होना पडा। उन्होंने कोविड महामारी के दौरान भारत की भूमिका की सराहना की। इस दौरान भारत में निर्मित दवाओं, उपकरणों और टीकों के अन्य देशों को दान करने का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान और श्रीलंका में मानवीय और आर्थिक सहायता उपलब्ध कराकर अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भारत का कद बढा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 October 2022

ब्रिटेन के नए वित्त मंत्री ने घोषित आयकर में योजनाबद्ध कटौती सहित अधिकांश आर्थिक पैकेज को पलट दिया

  यह कदम देश की राजकोषीय स्थिरता के बारे में बाजार को आश्वस्त करने के लिए था    ब्रिटेन के नए वित्त मंत्री जेरेमी हंट ने कुछ सप्ताह पहले घोषित आयकर में योजनाबद्ध कटौती सहित अधिकांश आर्थिक पैकेज को पलट दिया है। टेलीविज़न संबोधन में हंट ने कहा कि वह प्रमुख ऊर्जा नीति और सार्वजनिक व्यय में कटौती नहीं करने के वादे के साथ नई प्रधानमंत्री लिज़ ट्रस द्वारा शुरू की गई कर कटौतियों को निरस्त कर रहे हैं। शुक्रवार को प्रधानमंत्री ट्रस ने छह सप्ताह से भी कम समय तक वित्त मंत्री रहे क्वासी क्वार्टेंग को बर्खास्त कर दिया था और इस पद पर पूर्व विदेश और स्वास्थ्य मंत्री जेरेमी हंट को नियुक्त किया था। घरों और व्यवसाय के लिए दो वर्ष के ऊर्जा सहयोग योजना पर सौ अरब पॉउंड से अधिक खर्च की यह योजना अब अगले साल अप्रैल में समाप्त कर दी जायेगी। इसके स्थान पर दूसरी योजना लायी जायेगी। 23 सितंबर को घोषित कर कटौती योजना से ब्रिटेन की मुद्रा पाउंड में रिकॉर्ड गिरावट आई थी। इससे बैंक ऑफ इंग्लैंड को आपात कार्रवाई के लिए बाध्य होना पड़ा था। हंट ने इस संकट को लेकर  ट्रस के साथ इस सप्ताहांत बातचीत की। उन्होंने बैंक ऑफ इंग्लैंड के गवर्नर एंड्रयू बैले और सरकार के ऋण प्रबंधन कार्यालय प्रमुख के साथ भी बैठक की। हंट का यह कदम मजबूत राजकोषीय नीति के लिये सरकार की विश्वसनीयता बहाल करने पर केन्द्रित है। वित्त मंत्री ने हाऊस ऑफ कॉमन्स को संबोधित किया और आर्थिक मुद्दों पर सांसदों के प्रश्नों को सुना। ब्रिटेन के नए वित्त मंत्री जेरेमी हंट ने सोमवार को ब्रिटिश प्रधानमंत्री लिज ट्रस के  कर कटौती से जुड़े पूर्व में लिए गए सभी फैसलों को सभी को पूरी तरह से उलट दिया है।  एक आपातकालीन वित्तीय विवरण में महंगे ऊर्जा बिल सपोर्ट को भी पूर्व की भांति कर दिया गया है। हंट का यह कदम देश की राजकोषीय स्थिरता के बारे में बाजार को आश्वस्त करने और पिछले महीने अपने पूर्ववर्ती के मिनी बजट के झटके को शांत करने के लिए की गई कोशिश है। नए वित्त मंत्री जेरेमी हंट ने कहा है कि क्वासी क्वार्तेंग की ओर से मिनी बजट के दौरान की गई घोषणा जिसके तहत अप्रैल 2023 से आयकर में एक पेंस की कटौती की जानी थी, उसे ब्रिटेन की आर्थिक स्थिति सुधरने तक ‘अनिश्चितकाल के लिए’ स्थगित कर दिया गया है।   नए वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार की ऊर्जा मूल्य गारंटी केवल अप्रैल तक सार्वभौमिक होगी और यह मूल रूप से योजना के अनुसार दो साल के लिए नहीं होगी।हंट ने  अपने बयान में कहा, ‘सरकार ने मिनी बजट में कई बदलाव किए हैं और दो सप्ताह के बाद होने वाले मध्यम अवधि वित्तीय घोषणा से पहले इनका एलान करने का फैसला किया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 October 2022

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नई दिल्ली में 90वीं इंटरपोल महासभा का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत का यूएन मिशन में बड़ा योगदान रहा है   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नई दिल्ली में 90वीं इंटरपोल महासभा का उद्घाटन किया। यह सम्मेलन 21 अक्तूबर तक चलेगा। इंटरपोल प्रमुख जर्गेन स्टॉक ने नई दिल्ली में मीडिया से बातचीत में कहा कि बढ़ती हिंसा का सरकारों और व्यवसायों पर सामाजिक-आर्थिक असर पड़ रहा है। संगठित अपराध नेटवर्क अपराध और आतंक से अरबों की कमाई कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि चोरी गई वैश्विक परिसम्पत्तियों में से 99 प्रतिशत का अपराध नेटवर्क के पास होना गंभीर चिंता का विषय है। सी.बी.आई के विशेष निदेशक प्रवीण सिन्हा ने बताया कि महासभा में कई महत्‍वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा होगी। इंटरपोल महासभा अंतर्राष्ट्रीय पुलिस संगठन का शीर्ष शासी निकाय है और प्रमुख निर्णय लेने के लिए इसकी वार्षिक बैठक होती है। क्या है इंटरपोल? ऑस्ट्रिया के विएना में 7 सितंबर 1923 को  इंटरपोल की स्थापना हुई थी। अंतरराष्ट्रीय आपराधिक पुलिस संगठन को इंटरपोल के रूप में जाना जाता है। दुनियाभर के पुलिस नेटवर्क को जोड़ने वाला यह संगठन अपराध नियंत्रण पर काम करता है।  इस बार इंटरपोल से 195 देश के प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं। इस नेटवर्क से जुड़े सभी देश अपने प्रशिक्षित पुलिस अधिकारियों को इंटरपोल में डेपुटेशन पर भेजते हैं। भारत में 25 साल बाद इंटरपोल महासभा की बैठक हो रही है।इंटरपोल का पूरा नाम  International Criminal Police Organization है. जो वैश्विक पुलिस संस्थान के तौर पर काम करता है. इसका मुख्यालय फ्रांस के लियोन में है. वहीं, दुनिया के 7 अलग-अलग हिस्सों में इसके ब्यूरो कार्यालय हैं. इंटरपोल को वैश्विक स्तर पर अपराधियों को पकड़ने, उनका डेटाबेस तैयार करने में महारत हासिल है. इंटरपोल द्वारा रेड कॉर्नर घोषित होने का मतलब है कि दुनिया के हर देश की एंट्री-एग्जिट पॉइंट पर अपराधी के नाम का नोटिस लग जाना. ऐसे में इंटरपोल की नजर से बचकर कोई अपराधी देर तक भाग नहीं पाता है.   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत का यूएन मिशन में बड़ा योगदान रहा है। मोदी ने कहा कि भारतीयों में दुनिया में शांति की स्थापना के लिए बड़ा बलिदान दिया है।  90वीं इंटरपोल महासभा को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत आजादी के 75 वर्ष मना रहा है और ये हमारे लोगों, संस्कृति और उपलब्धि का उत्सव है. ये समय हमें पीछे देखने का है कि हम कहां से आए और आगे देखने का है कि हम कहां तक जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इंटरपोल एक ऐतिहासिक मील के पत्थर के करीब पहुंच रहा है. 2023 में, यह अपने 100 साल पूरे करेगा. यह दुनिया को एक बेहतर जगह बनाने के लिए सार्वभौमिक सहयोग का आह्वान है. भारत संयुक्त राष्ट्र शांति अभियान में शीर्ष योगदानकर्ताओं में से एक है. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत संयुक्त राष्ट्र शांति अभियान में बहादुर लोगों को भेजने में शीर्ष योगदानकर्ताओं में से एक है. अपनी आजादी से पहले भी, हमने दुनिया को एक बेहतर जगह बनाने के लिए बलिदान दिया है. भारतीय पुलिस बल 900 से अधिक राष्ट्रीय और 10,000 राज्य कानूनों को लागू करता है. उन्होंने कहा कि दुनिया भर में पुलिस बल न केवल लोगों की रक्षा कर रहे हैं, बल्कि सामाजिक कल्याण को आगे बढ़ा रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 October 2022

केन्‍द्र सरकार ने सभी रबी फसलों के लिए न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य बढाने की मंजूरी दी

  केंद्र ने 6 रबी फसलों की MSP बढ़ाई, गेंहू की कीमत 2125 रुपये/क्विंटल हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल ने वर्ष 2023-24 विपणन मौसम के लिए सभी रबी फसलों का सरकारी खरीद मूल्‍य यानि न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने की मंजूरी दी है। मसूर का न्यूनतम समर्थन मूल्य 500 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाया गया है, जो अब तक की सबसे अधिक बढ़ोतरी है। गेहूं के सरकारी खरीद मूल्य में 110 रुपये प्रति क्विंटल और जौ के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 100 रुपये की बढ़ोतरी की गई है। मंत्रिमंडल की बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में सूचना और प्रसारण मंत्री, अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा कि रेपसीड और सरसों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 400 रुपये प्रति क्विंटल, चने के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 105 रुपये प्रति क्विंटल और कुसुम के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 209 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि की गई है।   केंद्रीय कैबिनेट ने किसानों को दीवाली का तोहफा देते हुए आज 6 रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) बढ़ाने को मंजूरी दी है. केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कैबिनेट मीटिंग के बाद प्रेस ब्रीफ करते हुए बताया कि सरकार ने गेंहू की एमएसपी 110 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ा दी है. जिन फसलों की MSP बढ़ाई गई है. उनमें गेहूं के अलावा जौ, चना, मसूर, सूरजमुखी और सरसो शामिल है. इसे किसानों की आय और फसलों का उत्पादन बढ़ाने के तौर पर देखा जा रहा है. गेहूं की एमएसपी 110 रुपये प्रति क्विंटल बढ़कर अब रबी सीजन 2023-24 के लिए 2125 रुपये प्रति क्विंटल हो गई है. इसी तरह जौ का न्यूनतम समर्थन मूल्य 100 रुपये प्रति क्विंटल बढ़कर अब 1735 रुपये प्रति क्विंटल हो गया है. सरकार ने चना की एमएसपी में 105 रुपये, जबकि मसूर की एमएसपी में 500, सरसो की 400 और सूरजमुखी के एमएसपी में 209 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोत्तरी की है.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी (CCEA) की बैठक में न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) बढ़ाने का निर्णय लिया गया. MSP वह दर है, जिस पर सरकार किसानों से अनाज खरीदती है. वर्तमान में, सरकार खरीफ और रबी दोनों मौसमों में उगाई जाने वाली 23 फसलों के लिए एमएसपी तय करती है.

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 October 2022

केंद्र सरकार पेटेंट कानून को सरल बनाएगी

वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल का बयान    केन्‍द्र पेटेंट कानून को सरल बनाने के लिए उसमें संशोधन करेगा। वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने यह जानकारी देते हुए बताया कि नए पेटेंट कानून को सरल और बेहतर बनाने के लिए सभी हित धारकों से सुझाव आमंत्रित किए गए हैं। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान मद्रास के अनुसंधान पार्क में छात्रों और नवोन्‍मेषकों से चर्चा के दौरान गोयल ने कहा कि अब पेटेंट हासिल करने की पूरी प्रकिया ऑनलाइन कर दी जाएगी। उन्‍होंने कहा कि भारत में प्रतिभा और दक्षता का विश्‍वस्‍तरीय तालमेल मौजूद है। गोयल ने कहा कि भारत दुनिया को एक अरब से अधिक लोगों का ऐसा विशाल बाज़ार उपलब्‍ध कराता है, जो टेलीविजन और स्‍मार्ट फोन के जरिए दुनियाभर से जुड़ा है। वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा- केंद्र सरकार पेटेंट कानून को सरल बनाएगी केन्‍द्र पेटेंट कानून को सरल बनाने के लिए उसमें संशोधन करेगा। वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने यह जानकारी देते हुए बताया कि नए पेटेंट कानून को सरल और बेहतर बनाने के लिए सभी हित धारकों से सुझाव आमंत्रित किए गए हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 October 2022

कांग्रेस का नया अध्‍यक्ष चुनने के लिए मतदान जारी

  मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर के बीच मुकाबला      कांग्रेस का नया अध्‍यक्ष चुनने के लिए आज मतदान जारी है। सुबह 10 बजे से शुरू हुआ मतदान शाम चार बजे तक चलेगा। पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, महासचिव प्रियंका वाड्रा, सांसद पी. चिदंबरम, जयराम रमेश और अन्य नेताओं ने नई दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में मतदान किया। अध्‍यक्ष पद के लिए पार्टी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर के बीच मुकाबला है। मतगणना बुधवार को कराई जाएगी और उसी कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी ने भी मतदान किया। उन्होंने भारत जोड़ो यात्रा के शिविर में बने बूथ में अपना वोट डाला।दिन परिणाम घोषित किया जाएगा।कांग्रेस में अध्यक्ष पद के लिए मतदान जारी हैं। वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खरगे और शशि थरूर इस चुनावी मुकाबले में आमने-सामने हैं। 22 साल बाद हो रहे चुनाव के नतीजे 19 अक्तूबर को आएंगे। 9,000 से अधिक प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) के प्रतिनिधि गुप्त मतदान में पार्टी प्रमुख को चुनने के लिए मतदान करेंगे। पार्टी के 137 साल के इतिहास में छठी बार चुनावी मुकाबले में एआईसीसी मुख्यालय और देश भर के 68 मतदान केंद्रों पर मतदान होगा।कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए मतदान करने के बाद सोनिया गांधी ने पत्रकारों से कहा, मुझे इस दिन का लंबे समय से इंतजार था। कांग्रेस के नए अध्यक्ष के चुनाव में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी मतदान किया। अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी व प्रियंका गांधी ने कांग्रेस मुख्यालय पर अपना वोट डाला। कांग्रेस अध्यक्ष पद के मजबूत उम्मीदवार माने जा रहे वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने बेंगलुरू में अपना वोट डाला।राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव आज 22 साल बाद हो रहा है। आज ऐतिहासिक दिन है। यह चुनाव पार्टी में आंतरिक सद्भाव का संदेश देता है। गांधी परिवार से मेरे संबंध 19 अक्टूबर के बाद भी वही रहेंगे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 October 2022

गुजरात में आयुष्मान कार्ड का वितरण आज से

पीएम मोदी ने 2012 में मुख्यमंत्री अमृतम योजना शुरू की थी     प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गुजरात में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्‍यम से मुख्यमंत्री अमृतम आयुष्मान कार्ड के वितरण का शुभारम्‍भ करेंगे। प्रधानमंत्री जन-आरोग्य योजना के तहत गुजरात में सभी लाभार्थियों को उनके घर पर पचास लाख रंगीन मुद्रित आयुष्मान कार्ड वितरित किए जाएंगे। गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री के रूप में, पीएम मोदी ने 2012 में मुख्यमंत्री अमृतम योजना शुरू की थी। यह योजना गरीब नागरिकों को बीमारी के इलाज में होने वाले भयावह खर्च से बचाने के लिए लाई गई थी। वर्ष 2014 में, इस योजना में उन परिवारों को भी शामिल किया गया जिनकी वार्षिक आय चार लाख रुपये तक है। बाद में, इस योजना में कई अन्य समूहों को भी शामिल किया गया और इसका नाम मुख्यमंत्री अमृतम वात्सल्य योजना हो गया। योजना की सफलता को देखते हुए, वर्ष 2018 में प्रधानमंत्री ने आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन-आरोग्य योजना शुरू की। इस योजना के तहत प्रति परिवार प्रति वर्ष पांच लाख रुपये तक की कवरेज दी गई थी। वर्ष 2019 में, गुजरात सरकार ने मुख्यमंत्री अमृतम वात्सल्य को आयुष्मान भारत - प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना योजना के साथ जोड़ दिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 October 2022

केन्‍द्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने देहरादून में राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति का शुभारंभ किया

  देवभूमि उत्‍तराखण्‍ड विद्वानों की भूमि है केन्‍द्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने आज देहरादून में उच्‍च शिक्षा सत्र 2022-23 के लिए राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का शुभारंभ किया। उन्‍होंने उत्‍तराखण्‍ड सरकार को देश में सबसे पहले राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति 2020 लागू करने पर बधाई दी। केन्‍द्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि देवभूमि उत्‍तराखण्‍ड विद्वानों की भूमि है जिसने बाल वाटिका से देश में प्राथमिक शि‍क्षा की शुरूआत की। उन्‍होंने आशा जताई कि नई शिक्षा नीति के बेहतर कार्यान्‍वयन के लिए भविष्‍य में देवभूमि से सुझाव मिलते रहेंगे।  प्रधान ने कहा कि किसी देश और समाज का विकास बेहतर शिक्षा से ही संभव है। राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति 2020 मानव जीवन के विभिन्‍न पक्षों को ध्‍यान में रखकर बनाई गई है। इस अवसर पर मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी तथा राज्‍य के शिक्षा मंत्री धनसिंह रावत भी उपस्थित थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 October 2022

पीएम मोदी कल नई दिल्‍ली में प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान सम्‍मेलन का उद्घाटन करेंगे

12वीं किस्‍त के रूप में 16 हजार करोड़ रुपये की राशि जारी करेंगे   प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी कल नई दिल्‍ली के भारतीय कृषि अनुसंधान संस्‍थान में प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान सम्‍मेलन-2022 का उद्घाटन करेंगे। सम्‍मेलन में देशभर से 13 हजार से अधिक किसान और तकरीबन एक हजार पांच सौ कृषि स्‍टार्टअप हिस्‍सा लेंगे। इस सम्‍मेलन में विभिन्‍न संस्‍थानों से जुड़े एक करोड़ से अधिक किसानों की ऑन लाइन जुड़ने की उम्‍मीद है। सम्‍मेलन में शोधकर्ता, नीति निर्माता और अन्‍य पक्षधारक भी शामिल होंगे। प्रधानमंत्री प्रत्‍यक्ष लाभ अंतरण के माध्‍यम से प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि की 12वीं किस्‍त के रूप में 16 हजार करोड़ रुपये की राशि जारी करेंगे। इस योजना के अंतर्गत पात्र किसान परिवार को प्रतिवर्ष छह हजार रुपये की राशि दो हजार रुपये की तीन समान किस्‍तों में दी जाती है। प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि के अंतर्गत पात्र किसान परिवारों को दो लाख करोड़ रुपये से अधिक प्राप्‍त हो चुके हैं। हमारे संवाददाता ने खबर दी है कि प्रधानमंत्री इस अवसर पर कृषि स्‍टार्टअप सम्‍मेलन और प्रदर्शनी का उद्घाटन भी करेंगे। लगभग तीन सौ स्‍टार्टअप कृषि, फसल उपरांत और मूल्‍यवर्धित समाधान और आपूर्ति श्रृंखला पर अपने नवाचार प्रदर्शित करेंगे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 October 2022

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में निश्तार अस्पताल की छत से सैकड़ों शव बरामद

 बलूच समर्थक समूहों ने गंभीर चिंता जताई   पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में निश्तार अस्पताल की छत से सैकड़ों शव मिलने पर बलूच समर्थक समूहों ने गंभीर चिंता व्‍यक्‍त की है। कई मीडिया रिपोर्टों के अनुसार ये सैकड़ों शव संदिग्ध परिस्थितियों में मिले हैं, जिन्‍हें देखकर लगता है कि ये,  जबरन अगवा किए गए  बलूच व्यक्तियों के हैं। बलूच नेशनल मूवमेंट - बीएनएम के प्रवक्ता ने कहा कि करीब पांच सौ अज्ञात क्षत-विक्षत शवों के मिलने की खबर सोशल मीडिया पर तेजी से वीडियो और तस्वीरों के साथ वायरल हुई है। बलूचिस्‍तान लिबरेशन फ्रंट - बीएलएफ प्रमुख अल्‍लाह नजर बलूच ने बरामद हुए शवों की घटना को एक बड़ी त्रासदी बताते हुए संयुक्‍त राष्‍ट्र और मानवाधिकार संगठनों से इस जघन्‍य घटना पर तुरंत संज्ञान लेने की अपील की है। उन्‍होंने  इसकी छानबीन के लिए एक मिशन को मुल्‍तान भेजे जाने की मांग की है। बीएलएफ प्रमुख ने आरोप लगाया कि इससे पहले भी  पाकिस्‍तान के सुरक्षा बल  बलूच लोगों के अपहरण के बाद हत्‍या करके उनके शवों को बलूचिस्‍तान के अलग-अलग शहरों में फेंकते रहे हैं। उन्‍होंने पाकिस्‍तान पर क्रूरता की सभी सीमाओं को लांघने का आरोप लगाते हुए कहा है कि अब समय आ गया है कि अंतराष्‍ट्रीय समुदाय अपनी चुप्‍पी तोड़े और व्‍यावहारिक कदम उठाए।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 October 2022

अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पाकिस्तान को दुनिया के सबसे खतरनाक देशों में से एक बताया

  पाकिस्तान बिना किसी सामंजस्य के परमाणु हथियार रखता है   अमरीका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पाकिस्तान को दुनिया के सबसे खतरनाक देशों में से एक बताया है, जो बिना किसी उद्देश्‍य के परमाणु हथियार रखता हैं। अमरीका के राष्ट्रपति ने कल कैलिफोर्निया के लॉस एंजिल्स में डेमोक्रेटिक कांग्रेस अभियान समिति के स्वागत समारोह में ये टिप्पणी की। बाइडेन ने पाकिस्तान पर यह टिप्पणी उस समय की जब वे चीन और रूस के संबंध में अमरीकी विदेश नीति के बारे में बात कर रहे थे। जो बाइडेन की यह टिप्पणी  अमरीका के साथ संबंध सुधारने के शहबाज शरीफ सरकार के प्रयास के लिए एक झटका माना जा रहा है। ये टिप्पणियां अमरीका की राष्ट्रीय सुरक्षा रणनीति के जारी होने के दो दिन बाद आई हैं, जिसमें पाकिस्तान का कोई जिक्र नहीं था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 October 2022

राज नाथ सिंह : देश को शक्तिशाली राष्ट्र बनाने के लिए रक्षा क्षेत्र को आत्‍मनिर्भर बनाना है

रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता और सुरक्षित सीमाएं भारत को एक शक्तिशाली राष्ट्र बनाने के लिए महत्वपूर्ण     रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि देश को शक्तिशाली राष्ट्र बनाने के लिए रक्षा क्षेत्र को आत्‍मनिर्भर बनाना और सीमाओं को सुरक्षित रखना महत्वपूर्ण पहलू हैं।नई दिल्ली में एक कार्यक्रम में राजनाथ  सिंह ने वर्ष 2047 तक देश को एक शक्तिशाली राष्ट्र बनाने के सरकार के संकल्‍प को दोहराया। उन्होंने उल्‍लेख किया कि सरकार सशस्त्र बलों को स्‍वदेश में निर्मित अत्याधुनिक हथियार प्रणालियां और उपकरण उपलब्‍ध कराने पर विशेष ध्‍यान दे रही है। प्रधानमंत्री ने हाल ही में आई एन एस विक्रांत को नौसेना में शामिल किए जाने का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा कि देश के पास आधुनिक हथियार और प्लेटफॉर्म बनाने की क्षमता है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि देश अगले दस वर्षों में आधुनिक और प्रभावी जल, थल, आकाश और अंतरिक्ष के लिए रक्षा प्लेटफार्मों का निर्माण शुरू कर देगा। रक्षा मंत्री ने कहा कि हाल के वर्षों में रक्षा निर्यात में काफी वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि रक्षा निर्यात बढ़कर 13 हजार करोड़ रुपये हो गया है जो पहले एक हजार 900 करोड़ रुपये का था। उन्होंने कहा कि देश ने 2025 तक एक लाख 75 हजार करोड़ रुपये के रक्षा उत्पादन का लक्ष्य रखा है, जिसमें 35 हजार करोड़ रुपये का रक्षा निर्यात शामिल है। सीमावर्ती क्षेत्रों के विकास को सरकार की प्राथमिकता बताते हुए राजनाथ  सिंह ने कहा कि सशस्त्र बलों की तैयारियों को और मजबूत करने के लिए दूर-दराज के इलाकों से संपर्क बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले आठ वर्षों में पूर्वोत्तर क्षेत्र में शांति और समृद्धि की बहाली सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में 2014 के बाद से हिंसक घटनाओं में 80 से 90 प्रतिशत की कमी आई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 October 2022

भारत हमेशा बातचीत और शांति से समस्‍या के समाधान के पक्ष में रहा है

 रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का भारत के लिए बड़ा बयान    रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि भारत हमेशा बातचीत और शांति से समस्‍या के समाधान की आवश्‍यकता पर बल देता है। उन्‍होंने कहा कि रूस यूक्रेन संघर्ष के बारे में भारत चिन्तित है। पुतिन कल कजाखस्तान की राजधानी अस्ताना में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। पुतिन का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब करीब एक महीने पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उज्बेकिस्तान में  शिखर सम्मेलन में कहा था कि आज का युग युद्ध का नहीं है। प्रधान मंत्री मोदी नेपुतिन के साथ एक द्विपक्षीय बैठक में शत्रुता को जल्दी समाप्त करने का आह्वान किया था और भोजन, ईंधन सुरक्षा और उर्वरकों की समस्याओं को दूर करने की आवश्यकता पर जोर दिया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 October 2022

प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी ने  अखिल भारतीय सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को वर्चुअल माध्यम से संबोधित किया

  गुजरात के केवडिया में कानून मंत्रियों और सचिवों को वर्चुअल संबोधित किया  प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि लोगों को त्‍वरित न्‍याय दिलाने के लिए राज्‍यों में स्‍थानीय स्‍तर पर वैकल्पिक विवाद समाधान तंत्र को बढावा देने की जरूरत है। उन्‍होंने तेजी से मुकदमों को निपटाने के लिए लोक अदालतों की भूमिका की सराहना की। प्रधानमंत्री ने वर्चुअल माध्‍यम से गुजरात में केवडिया के एकता नगर में विधि मंत्रियों और सचिवों के सम्‍मेलन का उदघाटन किया। सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए  मोदी ने कहा कि देश के सामने न्‍याय दिलाने में देरी एक बडी चुनौती है। उन्‍होंने गुजरात में शाम को भी अदालत में कामकाज शुरू करने की प्रशंसा की।  मोदी ने कहा कि अब समय आ गया है कि राज्‍य  मौजूदा कानूनों की समीक्षा करें और  औपनिवेशिक काल के पुराने तथा अप्रासंगिक कानूनों को रद्द करें। उन्‍होंने उल्‍लेख किया कि लोगों के जीवन स्‍तर में सुधार लाने के लिए केन्‍द्र सरकार ने पिछले आठ वर्षों में डेढ हजार से अधिक पुराने कानूनों और 32 हजार से अधिक कानूनी बाधाओं को हटाया है। प्रधानमंत्री ने उच्‍च न्‍यायालयों की संयुक्‍त बैठक का जिक्र किया जिसमें उन्‍होंने विचाराधीन कैदियों का मुद्दा उठाया था। उन्‍होंने सभी संबद्ध पक्षों से आग्रह किया था कि वे ऐसे मामलों के तेजी से निपटारे के लिए काम करें। प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्‍य सरकारों को विचाराधीन कैदियों के मामले में मानवीय दृष्टिकोण को ध्‍यान में रखते हुए काम करना चाहिए। उन्‍होंने जोर देकर कहा कि समृद्ध राष्‍ट्र और समाज में समरसता बनाए रखने के लिए संवेदनशील न्‍यायिक प्रणाली अनिवार्य है। न्‍याय व्‍यवस्‍था को आसान बनाने पर जोर देते हुए पीएम मोदी ने न्‍यायालयों में मातृभाषा में कामकाज करने की हिमायत की। उन्‍होंने कहा कि कानून की भाषा न्‍याय दिलाने में अडचन न बने। ई-कोर्ट, मुकदमों का ऑनलाइन पंजीकरण और वर्चुअल माध्‍यम से सुनवाई से विचाराधीन मुकदमों की संख्‍या कम की जा सकेगी। केंद्रीय विधि और न्‍याय मंत्री किरेन रिजिजू ने न्‍यायपालिका और कार्यपालिका में समन्‍वय पर जोर दिया ताकि न्‍याय दिलाने में देरी न हो। इस सम्मेलन का आयोजन विधि और न्याय मंत्रालय ने किया है। सम्मेलन का उद्देश्य नीति निर्माताओं को भारतीय कानूनी और न्यायिक प्रणाली से संबंधी मुद्दों पर चर्चा करने के लिए एक साझा मंच प्रदान करना है। इस सम्मेलन के माध्यम से राज्य और केंद्र शासित प्रदेश अपनी सर्वोत्तम प्रथाओं को साझा करेंगे, नए विचारों का आदान-प्रदान और आपसी सहयोग बढाने पर चर्चा करेंगे। न्यायिक प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए, वैकल्पिक विवाद समाधान तंत्र जैसे मध्यस्थता पर भी सम्मेलन में चर्चा होगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 October 2022

जम्मू-कश्मीर में  36 पुलिस कर्मियों को समय से पहले सेवानिवृत्त करने का आदेश

  भ्रष्टाचार और आपराधिक गतिविधियों में शामिल होने के चलते आदेश जम्मू-कश्मीर में 36 पुलिसकर्मियों को भ्रष्टाचार और आपराधिक गतिविधियों में शामिल होने के आरोपों पर समय-पूर्व सेवानिवृत्ति दे दी गयी है। इनके खिलाफ लोकसेवकों के लिए निर्धारित मानदंडों के अनुरूप काम नहीं करने और स्थापित आचार संहिता का उल्लंघन करने के आरोप हैं। ये कर्मचारी गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त पाए गए, अनधिकृत रूप से ड्यूटी से अनुपस्थित रहे, विभागीय जांच में दंडित किए गए और कुछ आपराधिक मामलों में भी लिप्त पाए गए। समीक्षा समिति ने कहा कि इन पुलिसकर्मियों का कार्यनिष्पादन असंतोषजनक पाया गया है और सरकारी नौकरी में इनका बना रहना लोकहित में नहीं है।    भष्ट्राचार को कतई बर्दाश्त न करने की नीति के तहत हाल में विभागीय कार्रवाई के बाद कई कर्मचारियों को सेवा से बर्खास्त किया गया है। अनेक कर्मियों की सेवाएं राष्ट्र विरोधी गतिविधियों के आरोप में समाप्त कर दी गई हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 October 2022

गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह ने चौथे और पांचवें चरण की गुजरात गौरव यात्रा को रवाना किया

अमित शाह ने गुजरात के नवसारी जिले के उन्‍नई से गौरव यात्रा को रवाना किया   केन्‍द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आज गुजरात में नवसारी जिले के उनै में चौथे और पांचवें चरण की गुजरात गौरव यात्रा को झंडी दिखाकर रवाना किया। यात्रा के चौथे चरण को बिरसा मुंडा जनजातीय यात्रा नाम दिया गया है, जो राज्‍य के 14 जनजातीय जिलों के 31 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों से होकर जायेगी। उत्‍तरी गुजरात में मंदिरों के शहर अम्‍बाजी में इसका समापन होगा। उनै से ही शुरू होने वाली एक अन्‍य यात्रा 35 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों से होते हुए खेड़ा जिले में फग्‍वेल में सम्‍पन्‍न होगी। इस अवसर पर लोगों को सम्‍बोधित करते हुए शाह ने जनजातीय लोगों के कल्‍याण के प्रति भाजपा सरकार की प्रतिबद्धता दोहराई। उन्‍होंने कहा कि भाजपा सरकार ने ही केन्‍द्र में एक अलग जनजातीय मंत्रालय बनाया। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने राज्‍य में वन बंधु कल्‍याण योजना शुरू की, जिससे जनजातीय लोगों को बड़े पैमाने पर लाभ पहुंचा। उन्‍होंने कहा कि भाजपा सरकार ने राज्‍य में 11 लाख हेक्‍टेयर जनजातीय भूमि पर सिंचाई सुविधा उपलब्‍ध कराई है। कोविड महामारी के दौरान प्रधानमंत्री ने गरीबों विशेषकर जनजातीय परिवारों को मुफ्त अनाज वितरण सुनिश्चित किया। अमित शाह ने कहा कि ये भाजपा की ही सरकार थी, जिसने 98 प्रतिशत जनजातीय क्षेत्र को सम्‍पर्क सुविधा उपलब्‍ध कराई।  इस अवसर पर केन्‍द्रीय मंत्री अर्जुन सिंह मुंडा और दर्शना बेन जरदोश उपस्थित रहे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 October 2022

प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली आबकारी नीति को लेकर छापेमार कार्रवाई की

  धनशोधन मामले की जांच के सिलसिले में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कई स्थानों पर छापे मारे   प्रवर्तन निदेशालय ने आज दिल्ली आबकारी नीति में धनशोधन के मामले की जांच के सिलसिले में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कई स्थानों पर छापे मारे। ये छापे शराब के निजी कंपनियों के डीलरों और वितरकों के परिसरों पर मारे गए। जांच एजेंसी ने इस सिलसिले में अब तक कई स्थानों पर छापे मारे हैं और पिछले महीने कारोबारी समीर महेन्द्रू को भी गिरफ्तार किया था। मनी लॉंड्रिंग का मामला केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो - सीबीआई की प्राथमिकी से सामने आया था, जिसमें दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और अन्य लोगों के खिलाफ आरोप थे। दिल्ली के उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने वर्ष 2021-22 की दिल्ली आबकारी नीति को लागू करने में कथित अनियमितताओं की बात सामने आने के बाद इसकी जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की थी। उपराज्यपाल ने  इस मामले से जुडे 11 आबकारी अधिकारियों को निलंबित कर दिया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 October 2022

सार्वजनिक परिवहन को सस्ता और अधिक आकर्षक बनाने की आवश्यकता पर बल दिया

  इलेक्ट्रिक मोबिलिटी और इको-सिस्टम को सुदृढ़ करने पर सम्मेलन    सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्य मंत्री जनरल वी.के. सिंह ने देश भर में सार्वजनिक परिवहन को सस्ता और अधिक आकर्षक बनाने की आवश्यकता पर बल दिया है। इलेक्ट्रिक मोबिलिटी और इको-सिस्टम को सुदृढ़ करने पर आज नई दिल्ली में आयोजित सम्मेलन में उन्होंने कहा कि देश में ई-वाहनों को बढ़ावा देने और जीवाश्म ईंधन आधारित ऊर्जा पर निर्भरता कम करने की आवश्यकता है। केन्‍द्रीय मंत्री ने कहा कि एक शहर से दूसरे शहर के बीच यात्रा अब कुछ सीमा तक बैटरी चालित वाहनों से की जाती है, और इसके लिए फास्ट चार्जिंग स्टेशनों का नेटवर्क बनाने की आवश्‍यकता है। जनरल सिंह ने दोपहिया ई-वाहनों को बढ़ावा देने पर भी जोर दिया। उन्‍होंने कहा कि आत्मानिर्भर भारत पहल के अन्‍तर्गत देश ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोतों पर काम कर रहा है और सरकार इस दिशा में हर संभव कदम उठा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 October 2022

भारत ने फिर स्पष्ट किया है कि पूरा जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और हमेशा रहेगा

  संयुक्त राष्ट्र महासभा में रूस की निंदा के प्रस्ताव से अलग रहा भारत    भारत ने फिर स्पष्ट किया है कि पूरा जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और हमेशा रहेगा। संयुक्त राष्ट्र महासभा में रूस पर चर्चा के दौरान कश्मीर मुद्दा उठाने पर पाकिस्तान को मुहतोड़ जवाब में संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि रूचिरा कम्बोज ने कहा कि एक बार फिर इस मंच का दुरुपयोग करने की कोशिश की गई और भारत के खिलाफ निरर्थक और निराधार टिप्पणी की गई। उन्होंने कहा कि ऐसे बयान की सामूहिक अवहेलना की जानी चाहिए। उन्होंने पाकिस्तान से सीमा पार आतंकवाद बंद करने को कहा ताकि नागरिक स्वतंत्रता से जीने के अधिकार का उपभोग कर सकें। संयुक्त राष्ट्र महासभा में रूस की निंदा के प्रस्ताव से अलग रहने के बाद भारत ने यूक्रेन में बढ़ते संघर्ष पर गहरी चिन्ता व्यक्त की।  कंबोज ने कहा कि भारत लगातार कहता रहा है कि लोगों की जान की कीमत पर कोई समाधान नहीं हो सकता और युद्ध जारी रहना किसी के हित में नहीं है। उन्होंने कहा कि बातचीत और राजनयिक माध्यम से तुरन्त युद्ध रोकने का प्रयास होना चाहिए।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 October 2022

उच्चतम न्यायालय की दो न्यायाधीशों की खंडपीठ ने कर्नाटक हिजाब प्रतिबंध मामले में अलग-अलग राय दी

उच्च न्यायालय ने  फैसला दिया था कि हिजाब पहनना इस्लाम की आवश्यक प्रथा नहीं   उच्चतम न्यायालय की दो न्यायाधीशों की खंडपीठ ने कर्नाटक हिजाब प्रतिबंध मामले में अलग-अलग राय दी है। शीर्ष न्यायालय के फैसले के मद्देनजर कर्नाटक में शिक्षण संस्थाओं में हिजाब पहनने पर प्रतिबंध की अनुमति देने वाला उच्च न्यायालय का आदेश फिलहाल लागू रहेगा। न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता और सुधांशु धूलिया की पीठ ने कर्नाटक उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती देने वाली अपीलों का निपटारा करते हुए अपना फैसला सुनाया है। उच्च न्यायालय ने  फैसला दिया था कि हिजाब पहनना इस्लाम की आवश्यक प्रथा नहीं है। उच्च न्यायालय ने राज्य के शिक्षण संस्थानों में हिजाब पहनने पर प्रतिबंध लगाने की अनुमति दी थी। इस मामले में आज फैसला सुनाते हुए न्यायमूर्ति न्यायाधीश हेमन्त गुप्ता ने याचिकाओं को खारिज करते हुए हिजाब पर प्रतिबंध लगाने के कर्नाटक उच्च न्यायालय के फैसले को सही ठहराया है। दूसरी ओर, न्यायाधीश सुधांशु धूलिया ने अपीलों पर सुनवाई करते हुए कर्नाटक उच्च न्यायालय के फैसले को खारिज कर दिया। न्यायमूर्ति धूलिया ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 14 और 19 के अनुसार हिजाब पहनना व्यक्तिगत इच्छा पर निर्भर है। खंडपीठ ने इस मामले में अलग-अलग राय होने पर यह मामला उचित दिशा-निर्देश के लिए प्रधान न्यायाधीश को भेजने का फैसला किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 October 2022

वित्‍तमंत्री निर्मला सीतारामन ने कहा- 2023-24 के केन्‍द्रीय बजट में आर्थिक वृद्धि शीर्ष पर रहेगी

  वित्‍त मंत्री ने वाशिंगटन में ब्रुकिंग्‍स संस्‍थान के एक कार्यक्रम में दिया बयान    वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारामन ने कहा है कि वर्ष 2023-24 के केन्‍द्रीय बजट की शीर्ष प्राथमिकताओं में वृद्धि भी एक प्राथमिकता होगी। उन्‍होंने कहा कि अगला केन्‍द्रीय बजट ध्‍यान पूर्वक तैयार किया जाएगा जिसमें वृद्धि गति बनाए रखने पर जोर होगा। वित्‍त मंत्री ने वाशिंगटन में ब्रुकिंग्‍स संस्‍थान के एक कार्यक्रम में कहा कि आगामी बजट में मुद्रा स्‍फीति से उत्‍पन्‍न चिंताओं को दूर करने पर भी ध्‍यान दिया जायेगा। बढ़ते कर्ज और वित्‍तीय घाटे के मुद्दे पर सुश्री सीतारामन ने कहा कि पिछले दो बजट में केन्‍द्र सरकार ने कोविड महामारी के बाद अर्थव्‍यवस्‍था को पुनर्जीवित करने के लिए बढ़ते पूंजी व्‍यय पर ध्‍यान केंद्रित किया। भारत को हो रहे तत्‍काल जोखिम के बारे में वित्‍त मंत्री ने कहा कि ऊर्जा और उर्वरक आवश्‍यकताएं उन सर्वाधिक महत्‍वपूर्ण चुनौतियों में है जिनका देश सामना कर रहा है। उन्‍होंने कहा कि अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर उर्वरक की बढती कीमतों के कारण संकट उत्‍पन्‍न हुआ है और यह ऊर्जा जरूरतों के साथ-साथ तत्‍काल एक चुनौती है। कोविड महामारी के दौरान अर्थव्‍यवस्‍था व्‍यवस्थित करने के बारे में वित्‍त मंत्री ने कहा कि अर्थव्‍यवस्‍था के डिजिटीकरण की वजह से भारत लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों को खाद्यान्‍न उपलब्‍ध कराने में सफल रहा। उन्‍होंने कहा कि वित्‍तीय समावेशन अवसंरचना के कारण लोगों को तत्‍काल राहत दी गई। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 October 2022

पीएम मोदी ने किया विश्व प्रसिद्ध बाबा महाकाल के आंगन में  श्री महाकाल लोक का लोकार्पण

  सीएम  शिवराज की तारीफ की , उज्जैन के महत्व को बताया  उज्जैन महाकाल की नगरी में पीएम मोदी विश्व प्रसिद्ध बाबा महाकाल के आंगन में बना श्री महाकाल लोक का लोकार्पण किया। पीएम मोदी ने हर हर महादेव के उद्घोष के साथ शुरू  संबोधन किया। पीएम मोदी ने अपना संबोधन हर हर महादेव से शुरू किया। उन्होंने कहा कि उज्जैन की यह ऊर्जा, यह उत्साह, अवंतिका की यह आभा, यह अद्भुत यह आनंद, महाकाल की यह महिमा, यह महात्म्य,... शंकर के सान्निध्य में कुछ भी साधारण नहीं है। असाधारण है। यह महसूस कर रहा हूं कि हमारी तपस्या से महाकाल प्रसन्न होते हैं तो ऐसे ही भव्य स्वरूपों का निर्माण होता है। जब महाकाल का आशीर्वाद मिलता है तो काल की रेखाएं मिट जाती हैं। समय की सीमाएं मिट जाती हैं। अंत से अनंत की यात्रा आरंभ हो जाती है। महाकाल लोक की यह भव्यता भी समय की सीमा से परे आने वाली कई पीढ़ियों को आलौकिक दिव्यता के दर्शन कराएगी। भारत की अध्यात्मिक और सांस्कृतिक चेतना को ऊर्जा देगी। मैं इस अद्भुत अवसर पर राजाधिराज महाकाल के चरणों में शत-शत नमन करता हूं। मैं आप सभी को देश-दुनिया में महाकाल के सभी भक्तों को ह्दय से बहुत-बहुत बधाई देता हूं। विशेष रूप से भाई शिवराज सिंह चौहान और उनकी सरकार, उनका मैं ह्दय से अभिनंदन करता हूं। जो लगातार इतने समर्पण से इस सेवा यज्ञ में लगे हुए हैं। साथ ही मैं मंदिर ट्रस्ट से जुडे सभी लोगों, संतों-विद्वानों का आभार प्रकट करता हूं। जिनके प्रयास यह सफल हुआ है। मोदी ने कहा कि महाकाल की नगरी उज्जैन के बारे में हमारे यहां कहा गया है कि प्रलयो न बाधते, तत्र महाकाल पुरी... अर्थात्.. महाकाल की नगरी प्रलय के प्रहार से भी मुक्त है। हजारों वर्ष पूर्व जब भारत का भौगोलिक स्वरूप आज से अलग रहा होगा तब से यह माना जाता रहा है कि उज्जैन भारत के केंद्र में है। एक तरह से ज्योतिषीय गणनाओं में उज्जैन न केवल भारत का केंद्र रहा है, बल्कि यह भारत की आत्मा का भी केंद्र रहा है। पीएम मोदी ने कहा  उज्जैन के क्षण-क्षण में, पल-पल में इतिहास सिमटा हुआ है। कण-कण में अध्यात्म समाया हुआ है। कोने-कोने में ईश्वरीय ऊर्जा संचारित हो रही है। यहां कालचक्र का 84 कल्पों का प्रतिनिधित्व करते 84 शिवलिंग हैं। यहां चार महावीर हैं। छह विनायक हैं। आठ भैरव हैं। अष्टमातृकाएं हैं। नवग्रह हैं। दस विष्णु हैं। ग्यारह रुद्र हैं। बारह आदित्य हैं। 24 देवियां हैं। 88 तीर्थ हैं।  इन सबके केंद्र में राजाधिराज, कालाधिराज महाकाल विराजमान है। यानी एक तरह से हमारे पूरे ब्रह्मांड की ऊर्जा को हमारे ऋषियों ने उज्जैन में प्रत्येक स्वरूप में स्थापित किया है। इसलिए उज्जैन ने हजारों वर्षों तक भारत की संपन्नता और समृद्धि का, ज्ञआन और गरिमा का, सभ्यता और साहित्य का नेतृत्व किया है। इस नगरी का वास्तु कैसा था, वैभव कैसा था, शिल्प कैसा था, सौंदर्य कैसा था, इसके दर्शन हमें महाकवि कालिदास के मेघदूतम में होते हैं। मोदी ने कहा कि बाणभट्ट जैसे कवियों के काव्यों में आज भी हमें यहां की संस्कृति का चित्रण मिलता है। मध्य काल के लेखकों ने भी यहां के स्थापत्य और वैभव का गुणगान किया है। किसी राष्ट्र का वैभव तभी होता है, जब उसकी सफलता का परचम विश्व पटल पर लहरा रहा होता है और सफलता के शिखर तक पहुंचने के लिए यह जरूरी है कि राष्ट्र अपने सांस्कृतिक उत्कर्ष को छुए और अपनी पहचान के साथ गौरव के साथ सिर उठाकर खड़ा हो जाए। पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के अमृत काल में भारत ने गुलामी की मानसिकता से मुक्ति और अपनी विरासत पर गर्व जैसे पंचप्राण का आह्वान किया है। इस वजह से अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण पूरी गति से हो रहा है। काशी में विश्वनाथ धाम भारत की सांस्कृतिक आध्यात्मिक राजधानी का केंद्र बन रहा है। चार धाम प्रोजेक्ट के जरिये हमारे चारों धाम ऑल वेदर रोड से जुड़ रहे हैं। इतना ही नहीं, पहली बार करतारपुर साहिब कॉरिडोर खुला है। हेमकुंड साहिब रोपवे से जुड़ने जा रहा है। स्वदेश दर्शन और प्रसाद योजना से हमारी अध्यात्मिक चेतना के ऐसे कितने ही केंद्रों का गौरव पुनः स्थापित हो रहा है। इसी कड़ी मे महाकाल लोक भी अतीत के गौरव के साथ भविष्य के स्वागत के लिए तैयार हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज जब हम उत्तर से दक्षिण तक, पूर्व से पश्चिम तक हमारे प्राचीन मंदिरों को देखते हैं तो उनका वास्तु, विशालता हमें आश्चर्य से भर देता है। कोणार्क का सूर्य मंदिर हो या एलोरा का कैलाश मंदिर... गुजरात का मोढेरा सूर्य मंदिर भी है। जहां सूर्य की किरणें सीधे गर्भ गृह में प्रवेश करती है। तंजावुर में ब्रह्मदेवेश्वर मंदिर, कांचीपुरम में वरदराजा मंदिर, बेलुर का चन्नकेशवा मंदिर, मदुरै का मीनाक्षी मंदिर, तेलंगाना का रामपप्पा मंदिर, श्रीनगर में शंकराचार्य मंदिर... यह मंदिर बेजोड़ है। न भूतो न भविष्यती के उदाहरण है। जब हम देखते हैं तो सोचने को मजबूर हो जाते हैं कि उस युग में, उस दौर में किस तकनीक से यह मंदिर बने होंगे। हमारे प्रश्नों के उत्तर भले ही न मिलते हो, पर इसके अध्यात्मिक संदेश हमें आज भी सुनाई देते हैं। पीएम मोदी बोले कि अतीत में हमने देखा है कि प्रयास हुए कि सत्ता बदले। भारत का शोषण हुआ। उज्जैन की ऊर्जा को भी नष्ट करने के प्रयास हुए। हमारे ऋषियों ने भी कहा कि महाकाल शिव की शरण में मृत्यु भी हमारा क्या कर लेगा। फिर पुनर्जीवित हुआ। फिर उठ खड़ा हुआ। हमने फिर अमरत्व की विश्वव्यापी घोषणा कर दी। भारत ने फिर महाकाल के आशीष पर काल के कपाल पर अस्तित्व का शिलालेख लिख दिया। आज एक बार फिर आजादी के अमृत काल में अमर अवंतिका भारत के सांस्कृतिक अमरत्व की घोषणा कर रही है।  जब पीढ़ियां इस विरासत को देखती है, उसके संदेशों को सुनती है, तब एक सभ्यता के रूप में, हमारी निरंतरता और अमरता का जरिया बन जाता है। महाकाल लोक में यह परंपरा उतने ही प्रभावी ढंग से कला और शिल्प के द्वारा उकेरी गई है। यह पूरा मंदिर प्रांगण शिवपुराण की कथाओं के आधार पर तैयार किया गया है। आप यहां आएंगे, महाकाल के दर्शन केसाथ ही आपको महाकाल की महिमा और महत्व के भी दर्शन होंगे। पंचमुखी शिव, उनके डमरू, सर्प, त्रिशुल, चंद्र और सप्तऋषि भी दिखेंगे। इनके भी भव्य स्वरूप यहां स्थापित है। यह वास्तु, उसमें ज्ञान का समावेश महाकाल लोक को सार्थकता को बढ़ाता है।   पीएम मोदी ने कहा कि शास्त्रों में शिवम् ज्ञानम् ... इसका अर्थ है.. शिव ही ज्ञान है। और ज्ञान ही शिव है। शिव के दर्शन में ब्रह्मांड का सर्वोच्च दर्शन है। यह दर्शन ही शिव का दर्शन है। मैं मानता हूं कि हमारे ज्योतिर्लिंगों का विकास भारत के अध्यात्मिक ज्योति का विकास है। भारत का यह सांस्कृतिक दर्शन.. एक बार फिर शिखर पर चढ़कक शिव का मार्गदर्शन करने को तैयार हो रहा है।  मोदी ने कहा कि भगवान महाकाल एकमात्र ऐसा शिवलिंग है जो दक्षिण मुखी है। इसकी भस्मारती पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। हर भक्त भस्मारती जरूर करना चाहता है। भस्मारती का धार्मिक महत्व यहां उपस्थित संत गण ज्यादा अच्छे से बता सकेंगे। भारत की जीवटता और जीवंतता का दर्शन भी करता हूं। अपराजेयता को भी देखता हूं। जो शिव स्वयंभूति विभूषणा.. जो शिव खुद को भस्म को धारण करने वाले हैं, वह नश्वर और अविनाशी है। जहां महाकाल है, वहां काल खंडों की सीमाएं नहीं हैं. महाकाल की शरण में विष में भी स्पंदन होता है।  उज्जैन जो हजारों वर्ष से भारतीय कालगणना का केंद्र बिंदू रहा है, वह भारत की भव्यता के उद्घोष कर रहा है। यहां महाकाल मंदिर में पूरे देश-दुनिया से लोग आते हैं। सिंहस्थ में लाखों लोग जुड़ते हैं। अनगिनत विविधताएं भी, एक मंत्र, संकल्प लेकर जुड़ सकती हैं, इससे अच्छा उदाहरण क्या हो सकता है। हम जानते हैं कि हजारों साल से हमारे कुंभ मेले की परंपरा सामूहिक मंथन के बाद जो निकलता है, उसे संकल्प लेकर क्रियान्वित करने की परंपरा रही है। फिर एक बार अमृत मंथन होता था। फिर 12 साल के लिए चल पड़ते हैं। पिछले सिंहस्थ में महाकाल का बुलावा आया तो यह बेटा आए बिना कैसे रह सकता है। कुंभ की हजारों साल की परंपरा, मन-मस्तिष्क में मंथन चल रहा था, मां शिप्रा के तट पर अनेक विचारों से घिर गया था. उसी विचारों से मन कर गया, कुछ शब्द चल पड़े, पता नहीं कहां से आए, और जो भाव पैदा हुआ वह संकल्प बन गया... यह ही आज साकार हो गया है। उस समय के भाव को चरितार्थ करके दिखाया है, सबके मन में शिवत्व और शिव के लिए समर्पण, शिप्रा के लिए... कितनी प्रेरणा यहां विश्व की भलाई के लिए निकल सकती है... काशी जैसे हमारे केंद्र धर्म के साथ-साथ दर्शन और कला की राजधानी भी रहे। उज्जैन जैसे स्थान एस्ट्रोनॉमी से जुड़े शोधों के शीर्ष केंद्र रहे हैं। आज नया भारत प्राचीन मूल्यों के साथ आगे बढ़ रहा है तो आस्था के साथ-साथ विज्ञान की भी नई छवि बना रहा है। आज भारत दुनिया के कई देशों के सैटेलाइट स्थापित कर रहा है। रक्षा के क्षेत्र में पूरी ताकत से आगे बढ़ रहा है। युवा स्टार्टअप बना रहे हैं, नए यूनीकॉर्न के जरिये भारत की प्रतिभा का डंका बजा रहे हैं। हमें भी याद रखना है कि जहांइनोवेशन है वहीं पर रेनोवेशन भी है। हमने गुलामी के कालखंड में जो खोया, आज भारत उसे रेनोवेट कर रहा है। अपने गौरव की, अपने वैभव की पुनस्थापना हो रही है। इसका लाभ सिर्फ भारत के लोगों को नहीं बल्कि विश्वास रखिये साथियों महाकाल के चरणों में बैठे हैं, विश्वास के साथ कहता हूं कि इसका लाभ पूरे विश्व को मिलेगा, पूरी मानवता को मिलेगा। महाकाल के आशीर्वाद से भारत की भव्यता, दिव्यता पूरे विश्व के लिए शांति का मार्ग दिखाएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 October 2022

महाराष्‍ट्र सरकार  मराठा समुदाय को आरक्षण और अन्‍य सुविधाएं उपलब्‍ध कराने के पक्ष में

  छात्र और छात्राओं के लिए पचास-पचास होस्‍टल बनाने की घोषणा महाराष्‍ट्र सरकार ने जोर देकर कहा है कि वह मराठा समुदाय को आरक्षण और अन्‍य सुविधाएं उपलब्‍ध कराने के पक्ष में है। राज्‍य सरकार ने मराठा समुदाय के छात्र और छात्राओं के लिए पचास-पचास होस्‍टल बनाने की घोषणा की है। उच्‍चतर और तकनीकी शिक्षा मंत्री चन्‍द्रकांत पाटिल की अध्‍यक्षता में मंत्रिमंडल की उप-समिति की बैठक में कल यह निर्णय लिया। बैठक में जिलों में पहले से बने होस्‍टलों का पुनरूद्धार करने का भी फैसला लिया गया। नए होस्‍टल बनाने के लिए ठेका देने की निविदाएं जारी की जाएंगी। उच्‍चतम न्‍यायालय में मराठा समुदाय के लिए आरक्षण के मामले में पुनर्विचार याचिका दायर की गई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 October 2022

टूना टेकरा में बहुउद्देशीय कार्गो सुविधा और कंटेनर टर्मिनल के विकास को स्‍वीकृति मिली

  अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देंगी और रोजगार पैदा करेंगी परियोजनाएं    केंद्रीय मंत्रिमंडल ने गुजरात में कांडला बंदरगाह के निकट टूना टेकरा में बहुउद्देशीय कार्गो सुविधा और कंटेनर टर्मिनल के विकास को स्‍वीकृति दी है। यह परियोजनाएं कंटेनर कार्गो यातायात में भविष्य की आवश्‍यकताओं को पूरा करेंगी, अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देंगी और रोजगार पैदा करेंगी। सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि बहुउद्देशीय कार्गो सुविधा के विकास में दो हजार करोड़ रुपये से अधिक खर्च आएगा। उन्होंने कहा कि इससे जम्मू-कश्मीर, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान के लोगों लाभ होगा। ठाकुर ने कहा कि टूना-टेकरा में कंटेनर टर्मिनल के विकास में 4 हजार 243 करोड़ रुपये की लागत आएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 October 2022

प्रधानमंत्री ने कहा सरकार ‘अंत्योदय

संकट के समय एक दूसरे की मदद के लिए संस्‍थागत दृष्टिकोण अपनाएं   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंतर्राष्‍ट्रीय समुदाय का आह्वान किया है कि वे संकट के समय एक दूसरे की मदद के लिए संस्‍थागत दृष्टिकोण अपनाएं।  मोदी ने कहा कि कोविड महामारी ने हमें सतर्क कर दिया है और संयुक्‍त राष्‍ट्र जैसी वैश्विक संस्‍था हर क्षेत्र के अंतिम छोर तक संसाधनों को पहुंचाने का मार्ग प्रशस्‍त कर सकती है।  प्रधानमंत्री ने कहा कि आपसी सहयोग और प्रौद्योगिकी के हस्‍तांतरण से जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों से निपटा जा सकता है। हैदराबाद में संयुक्त राष्ट्र विश्व भू-स्थानिक सूचना कांग्रेस को वीडियो संदेश के माध्‍यम से संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत एक युवा राष्‍ट्र है, जिसमें नवाचार की बडी भावना है। प्रतिनिधियों का स्‍वागत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह शहर अपनी संस्‍कृति, पाक शैली, आतिथ्‍य और उच्‍च तकनीक के लिए जाना जाता है। इस वर्ष का विषय है "गांव को विश्‍व के साथ जोड़ना: कोई भी पीछे नहीं छूटना चाहिए"। प्रधानमंत्री ने कहा कि समाज के अंतिम छोर पर रहने वाले लोगों को सशक्त बनाने के लिए अंत्योदय' योजना पर मिशन मोड पर काम किया जा रहा है।  पीएम मोदी ने उल्‍लेख किया कि 45 करोड लोगों के खाते खोलकर उन्‍हें बैंकिंग नेटवर्क से जोडा गया है और 13 करोड पचास लाख लोगों को बीमा योजना का लाभ दिया गया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोई पीछे न छूटे मिशन के तहत 11 करोड परिवारों को स्‍वच्‍छता सुविधाएं उपलब्‍ध कराई गई हैं और छह करोड़ से अधिक परिवारों को नल से पीने का पानी मिल रहा है।  प्रधानमंत्री ने कहा कि भू-स्थानिक प्रौद्योगिकी समावेश और प्रगति को आगे बढ़ा रही है। भू-स्‍थानिक प्रौद्योगिकी के माध्‍यम से प्रधानमंत्री गति शक्ति मास्‍टर प्‍लान को सशक्‍त बनाया जा रहा है। श्री मोदी ने कहा कि भारत दुनिया में स्‍टार्टअप का प्रमुख केन्‍द्र बन गया है। 2021 के बाद से स्‍टार्टअप यूनीकॉर्न की संख्‍या करीब दोगुनी हो गई है। संयुक्‍त राष्‍ट्र विश्‍व भू-स्‍थानिक सूचना कांग्रेस सम्‍मेलन 14 अक्‍टूबर से आयोजित किया जा रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 October 2022

रूस ने यूक्रेन पर 84 मिसाइलें दागी, 11 लोगों की मौत

   भारत ने अपने नागरिकों को यूक्रेन यात्रा से बचने की सलाह दी   रूस यूक्रेन का युद्ध अब बदतर हालत में पहुँचता जा रहा है।  जहाँ क्रीमिया और रूस को जोडने वाले पुल में ब्लास्ट के बाद रूस ने जवाबी कार्रवाई शुरू कर दी है।  रूस ने कल यूक्रेन के प्रमुख शहरों पर 84 मिसाइलें दागीं जिसमें 11 लोगों की मौत हो गई। यूक्रेन के खिलाफ युद्ध शुरू होने के बाद रूस का यह सबसे बड़ा हवाई हमला है। यूक्रेन की राजधानी कीव के व्‍यस्‍त चौराहों, पार्कों और पर्यटक स्‍थलों पर मिसाइलें दागी गईं। पश्चिमी यूक्रेन में लवीव, तरनोपिल और झाइतोमिर, मध्‍य यूक्रेन में दनिप्रो और क्रेमेनचुक, दक्षिण में जैपरोज्‍योजिया और पूर्व में खारकीव में भी विस्‍फोट होने की खबरें मिली हैं। मिसाइलों से विद्युत संयंत्रों को निशाना बनाया गया जिसकी वजह से देश के कई हिस्‍सों में बिजली की आपूर्ति ठप्‍प हो गई। यूक्रेन के राष्‍ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्‍की ने कहा है कि रूस के हमले लोगों को जानबूझकर मारने और यूक्रेन के पावर ग्रिड को तबाह करने के लिए किए गए। अमरीका के राष्‍ट्रपति जो बाइडेन और जी-7 के नेता आज वर्चुअल बैठक करेंगे जिसमें यूक्रेन को समर्थन देने की अपनी प्रतिबद्धता और हमले के लिए रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन को जिम्‍मेदार ठहराने पर चर्चा होगी। सरकार ने भारतीय नागरिकों को यूक्रेन न जाने और यूक्रेन में गैर-जरूरी यात्राओं से बचने की सलाह दी गई है। यूक्रेन में जारी युद्ध की वर्तमान स्थिति को देखते हुए भारतीय दूतावास ने यह परामर्श जारी किया है। परामर्श में कहा गया है कि भारतीय नागरिकों को यूक्रेन सरकार और स्‍थानीय अधिकारियों के सुरक्षा दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए। दूतावास ने भारतीय नागरिकों से अनुरोध किया है कि वे यूक्रेन में अपनी मौजूदगी की स्थिति के बारे में दूतावास को जानकारी देते रहें ताकि जरूरत पड़ने पर दूतावास उन तक अपनी पहुंच बना सके।  आपको बता दें रूस ने यह हमला उस समय किया जब रूस के जनमत संग्रह पर यूएनओ में बैठक होनी थी।  इसके लिए देशों से वोटिंग होनी थी।  अब इससे पहले ही रूस ने जवाबी कार्रवाई में यूक्रेन की कई सरकारी इमारतों को ध्वस्त कर दिया।  बड़े पैमाने पर इस युद्ध के दुष्परिणाम निकलकर सामें आने लगे है।  इससे पहले रूस ने युद्ध विराम के संकेत दिए थे।  लेकिन अब सभावना जताई जा रही है यह युद्ध परमाणु युद्ध की तरफ न बढ़ जाए। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 October 2022

भेंट-मुलाकात के लिए कवर्धा विधानसभा के ग्राम झलमला पहुंचे मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल

शिव मंदिर में पूजा अर्चना कर प्रदेशवासियों की सुख सम्रद्धि की कामना की     भेंट-मुलाकात के लिए कवर्धा विधानसभा के ग्राम झलमला पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वहां  पचराही के शिव मंदिर में पूजा अर्चना कर प्रदेशवासियों की सुख सम्रद्धि की कामना की। झलमला में भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में पहुंचने पर आदिवासी नर्तक दल ने पारंपरिक लोकनृत्य के साथ किया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का स्वागत। छत्तीसगढ़ महतारी की पूजा अर्चना कर मुख्यमंत्री  बघेल ने की भेंट-मुलाकात की शुरुआत। यहां ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री का खुमरी पहनाकर स्वागत किया। स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव और वनमंत्री मोहम्मद अकबर भी हैं उपस्थित।  मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने कहा - मैं देखना आया हूँ कि लोगों तक हमारी योजनाओं का लाभ पहुंच रहा है या नहीं।  ग्राम झलमला और आसपास के गांवों से लोग बड़ी संख्या में हैं उपस्थित। किसान घनश्याम साहू , लोहारीडीह ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को बताया - मेरा 1.50  लाख रूपये का कर्जा माफ हुआ है, इस पैसे से ट्रैक्टर खरीदा है,  मुख्यमंत्री ने उन्हें बधाई दी और कहा कि अब किसानों का ट्रैक्टर लोन न चुका पाने की वजह से जब्त नहीं हो रहा है, किसानों को पैसा मिल रहा है वे समय पर अपनी किश्त पटा पा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने यहां उपस्थित लोगों से पूछा - कितने लोगों का राशनकार्ड बना है, इस पर बड़ी संख्या में आम जनता ने हाथ उठाकर हां में जवाब दिया। प्रकाश अग्रवाल, ग्राम-चिल्फी ने मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल को बताया कि अभी तक गोधन न्याय योजना के तहत गोबर बेचकर 40 हजार रूपये का लाभ कमाया है, मेरे घर में 10 गाय हैं, जिनसे प्राप्त गोबर बेचकर अच्छी आय हो रही है, इस पर मुख्यमंत्री ने उन्हें बधाई दी। भेंट-मुलाकात को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कुपोषण के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं, इसलिए हमारी सरकार ने सुपोषण अभियान की शुरुआत की है।  इंदिरा ध्रुवे ने बताया कि आंगनबाड़ी में गर्म भोजन, अंडा और पौष्टिक आहार मिल रहा है, जिससे मेरे बच्चे की सेहत लगातार अच्छी हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गौठान में रूरल इंडस्ट्रियल पार्क शुरू किए जा रहे हैं, हर रूरल इंडस्ट्रियल पार्क में वर्किंग शेड, पहुँच मार्ग, पेयजल और बिजली जैसी बुनियादी सुविधाओं के लिए 2 करोड़ रुपये दिए जा रहे हैं ताकि ग्रामीण, महिलाएं और गांव के युवा रोजगार से जुड़ सके, उन्होंने युवाओं से कहा कि ज्यादा से ज्यादा रीपा से लाभ लें। मुख्यमंत्री ने यहां राजीव युवा मितान क्लब के बारे में जानकारी ली। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि पर्यटन के विकास के लिए काम करें और स्थानीय युवाओं को पर्यटन रोजगार से जोड़ें। मुख्यमंत्री ने जाति प्रमाण पत्र बारे में पूछा - इस बीच एक हितग्राही ने बताया कि उसका जाति प्रमाण पत्र नहीं बना है, जिस पर मुख्यमंत्री ने पंचायत सचिव तथा तहसीलदार से जानकरी लेते हुए कार्यकम खत्म होने तक वस्तुस्थिति बताने कहा। एक ग्रामीण गोरेलाल ने बताया कि दो साल पहले वनाधिकार मान्यता पत्र मिला, अब भूमि पर खेती कर रहा हूँ। पंजीयन करा कर समर्थन मूल्य में धान बेचा है। वेदकुंवर ने बताया कि समर्थन मूल्य में 2 हजार गड्डी तेंदू पत्ता बेचा है, जिससे 8 हजार रूपये की आय हुई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने तेंदूपत्ता संग्रहण दर बढ़ाकर 4 हजार रुपये प्रति मानक बोरा कर दिया है। 65 प्रकार के वनोपज खरीद रहे हैं और वैल्यू एडिशन पर काम कर रहे हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार मिल सके। उन्होंने इन योजना का अधिक से अधिक लाभ लेने की लोगों से अपील की। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भेंट-मुलाकात के दौरान कहा कि 1 नवंबर से प्रदेश में धान खरीदी शुरू हो जाएगी।  इस बार बारदाने की पर्याप्त व्यवस्था होगी।  बारदाने के लिए कहीं भी किसान भाइयों को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा। झलमला के शासकीय प्री-मैट्रिक अनुसूचित जनजाति बालक छात्रावास पहुंचकर मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने छात्रों से मुलाकात की। छात्रों ने गुलाब का फूल भेंटकर मुख्यमंत्री का आत्मीय स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने बच्चों से बातचीत कर उनका हालचाल जाना और पढ़ाई लिखाई तथा छात्रावास की विभिन्न व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली और बच्चों को मन लगाकर पढ़ाई करने की समझाइश दी।मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर छात्रावास परिसर में पीपल का पौधा रोपा।a

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 October 2022

अनियमितता से जुड़े एक मामले की जांच के सिलसिले में अभिषेक बोइनपल्‍ली गिरफ्तार

  दिल्ली आबकारी नीति लागू करने में अनियमितता से जुड़ा मामला    केन्‍द्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो-सीबीआई ने दिल्ली आबकारी नीति लागू करने में अनियमितता से जुड़े एक मामले की जांच के सिलसिले में अभिषेक बोइनपल्‍ली को गिरफ्तार किया है। पिछले महीने सीबीआई ने दिल्‍ली के उप मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया के सहयोगी और आम आदमी पार्टी के संचार प्रमुख विजय नायर को गिरफ्तार किया था। 15 लोगों पर हुई एफआईआर में मनीष सिसोदिया के साथ नायर का नाम भी शामिल था। हमारे संवाददाता ने खबर दी है कि सीबीआई ने आरोप लगाया है कि आबकारी नीति को संशोधित करते समय अनियमिताएं बरती गई और लाइसेंसधारकों को लाइसेंस देते समय शुल्‍क कम और माफ किया गया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 October 2022

समाजवादी पार्टी के संस्‍थापक और उत्‍तरप्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री मुलायम सिंह यादव का निधन

   विभिन्‍न राजनीतिक दलों के नेताओं ने शोक व्‍यक्‍त किया   समाजवादी पार्टी के संस्‍थापक और उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का आज सवेरे निधन हो गया है। वे 82 वर्ष के थे। मुलायम सिंह यादव काफी समय से बीमार चल रहे थे। उन्होंने हरियाणा के गुरूग्राम में एक निजी अस्‍पताल में अंतिम सांस ली। उन्हें 22 अगस्त को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और पहली अक्तूबर की रात को आईसीयू में स्थानांतरित किया गया था।मुलायम सिंह यादव के पार्थिव शरीर को गुरुग्राम से उत्तर प्रदेश में उनके पैतृक गांव सैफई ले जाया जा रहा है। उनका अंतिम संस्‍कार कल किया जाएगा। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह अंतिम संस्‍कार में शामिल होंगे। मुलायम सिंह यादव मैनपुरी से सांसद थे और सात बार लोकसभा के लिए चुने गए थे। वे देश के रक्षामंत्री भी रहे।  उनके दो पुत्र हैं। उनका बेटा अखिलेश यादव इस समय समाजवादी पार्टी का अध्यक्ष है। 1939 में उत्तर प्रदेश के सैफई गांव में जन्मे मुलायम सिंह यादव तीन बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। 1996 से 1998 के बीच रक्षा मंत्री भी रहे।  डॉक्टर राम मनोहर लोहिया, मधु लिमये और अन्य  समाजवादी नेताओं से प्रेरणा लेकर मुलायम सिंह यादव राजनीति में आए और क्षेत्रीय राजनीति में एक प्रमुख चेहरा बन गए। पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच वे 'नेताजी' के नाम से जाने जाते थे। उनके समर्थक उन्हें 'धरतीपुत्र' भी कहते थे। पहले वे पहलवानी भी करते थे। मुलायम सिंह करहल के एक महाविद्यालय में व्याख्याता रहे। वे पहली बार 1967 में उत्तर प्रदेश विधान सभा के लिए चुने गए और 10 बार विधायक बने। 1992 में  मुलायम सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी की स्थापना की और एक साल बाद बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन कर अपनी पार्टी को सत्ता दिलाई। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता मुलायम सिंह यादव के निधन पर शोक व्यक्त किया है और उनके परिजनों तथा समर्थकों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। द्रौपदी मुर्मु ने इसे देश के लिए अपूरणीय क्षति बताया है। उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह यादव साधारण पृष्ठभूमि से थे लेकिन उन्होंने अपनी असाधारण उपलब्धियों के कारण सभी राजनीतिक दलों का सम्मान हासिल किया।  उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने समाजवादी पार्टी नेता मुलायम सिंह यादव के निधन पर दुख व्‍यक्‍त किया है और उनके परिजनों तथा प्रशंसकों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। उन्‍होंने एक ट्वीट में कहा  कि शानदार व्‍यक्तित्‍व के नेता मुलायम सिंह जी ने अपना जीवन लोगों की सेवा के लिए समर्पित कर दिया। उपराष्ट्रपति ने कहा कि कृषि पृष्ठभूमि से आने वाले श्री यादव ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और केंद्रीय रक्षा मंत्री के रूप में राष्ट्र निर्माण में बहुत बड़ा योगदान दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समाजवादी पार्टी नेता मुलायम सिंह यादव के निधन पर दुख व्यक्त किया है।पीएम मोदी ने उनके परिवार और लाखों समर्थकों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि मुलायम सिंह यादवजी विनम्र और जमीन से जुड़े नेता थे। वे लोगों की समस्याओं के प्रति संवेदनशील थे। प्रधानमंत्री ने कहा है कि यादव ने पूरी लगन से लोगों की सेवा की और लोकनायक जय प्रकाश नारायण तथा डॉक्टर राम मनोहर लोहिया के आदर्शों को आगे बढाने में अपना जीवन समर्पित कर दिया। मुलायम सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश और राष्ट्रीय राजनीति में अपनी अलग पहचान बनाई।पीएम मोदी ने कहा कि रक्षा मंत्री के रूप में उन्होंने मजबूत भारत के लिए काम किया और राष्ट्रीय हित को हमेशा सर्वोपरि रखा। उन्होंने कहा कि मुलायम यादव जब मुख्यमंत्री थे तो उनकी उनसे कई बार बातचीत हुई थी। पीएम मोदी ने कहा कि मुलायम के साथ उनके घनिष्ठ संबंध थे और वे हमेशा उनके विचारों को सुनने के लिए उत्सुक रहते थे। गृहमंत्री अमित शाह ने समाजवादी पार्टी नेता मुलायमसिंह यादव के निधन पर गहरा दुख व्‍यक्‍त किया है। एक ट्वीट में अमित शाह ने कहा कि यादव अपने राजनीतिक कौशल के कारण दशकों तक राजनीति में सक्रिय रहे। उन्‍होंने कहा कि आपातकाल के दौरान लोकतंत्र की बहाली के लिए आवाज उठाने वाले मुलायम सिंह यादव को हमेशा जमीनी नेता के रूप में याद किया जाएगा। अमित शाह ने कहा कि उनका निधन भारतीय राजनीति में एक युग का अंत है। राजनाथ सिंह और डॉक्टर जितेंद्र सिंह सहित कई केंद्रीय मंत्रियों ने मुलायम सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उत्‍तरप्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने समाजवादी पार्टी अध्‍यक्ष अखिलेश यादव से टेलीफोन पर बात कर दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि दी। योगी ने उत्‍तरप्रदेश में तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की। मुलायम सिंह यादव का अंतिम संस्‍कार राजकीय सम्‍मान के साथ किया जाएगा। सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने समाजवादी पार्टी नेता मुलायम सिंह यादव के निधन पर गहरा दुख व्‍यक्‍त किया है। ठाकुर ने कहा कि समाजवादी पार्टी के संस्‍थापक मुलायम सिंह यादव का निधन भारतीय राजनीति के एक युग का अंत है। उन्‍होंने कहा कि मुलायम सिंह यादव के कार्य करने की शैली सबको प्रेरणा देगी। आपातकाल के दौरान लोकतंत्र को बचाने के लिए उनके द्वारा किये गये कार्यों को हमेशा याद किया जाएगा। भारतीय जनता पार्टी अध्‍यक्ष जे पी नड्डा ने कहा है कि  मुलायम सिंह यादव ने दशकों तक भारतीय राजनीति का स्‍तम्‍भ बनकर देश और समाज की सेवा की है। जेपी  नड्डा ने कहा कि यादव एक जमीनी नेता और आपातकाल के दौरान लोकतंत्र के मूल्‍यों के पेरोकार के रूप में याद किये जाएंगे।   पूर्व प्रधानमंत्री डॉ0 मनमोहन सिंह ने मुलायम  यादव को सम्‍मानीय नेता बताया। कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने दिग्‍गज नेता के निधन पर दुख व्‍यक्‍त किया है। उन्‍होंने कहा कि देश के रक्षामंत्री और उत्‍तरप्रदेश के मुख्‍यमंत्री के रूप में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। मार्क्‍सवादी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी महासचिव सीताराम येचुरी ने उन्‍हें हाशिये पर और पिछडे वर्ग का चैंपियन बताया। बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने उनके निधन पर दुख व्‍यक्‍त किया। नेशनल कान्‍फ्रेंस नेता फारूख अब्‍दुल्‍ला ने कहा कि वे गरीबों के नेता थे और उन्‍होंने अपना जीवन गरीबों के कल्‍याण के लिए समर्पित कर दिया। राष्‍ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू यादव ने कहा कि समाजवादी आंदोलन को आगे बढाने में मुलायम सिंह का महत्‍वपूर्ण योगदान है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 October 2022

पीएम मोदी ने आठ हजार करोड रूपये से अधिक लागत की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्‍यास किया

  आज दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है- पीएम मोदी    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गुजरात के भरूच जिले में आठ हजार करोड़ रुपये से अधिक की लागत वाली कई विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत अर्थव्यवस्था के मामले में पहले 10वें स्थान पर था, लेकिन आज दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। इस उपलब्धि पर हम सब को गर्व है। पीएम मोदी ने जोर देकर कहा कि कोविड महामारी के समय दुनिया ने भारतीय औषधि क्षेत्र की क्षमता और महत्व को समझा। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी को परास्त करने में भारत का अतुलनीय योगदान रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि नये भारत में बनी दवाओं का निर्यात आज नई ऊंचाईयों को छू रहा है। यह उपलब्धि सभी  के सहयोग से ही प्राप्त हो सकी। उन्होंने कहा कि देश के अमृत काल में प्रवेश करने के साथ ही गुजरात के लिए भी स्वर्णकाल शुरू हो गया है। गुजरात देश की प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है।  पीएम मोदी ने कहा कि हाल के दिनों में गुजरात विनिर्माण के प्रमुख केंद्र के रूप में उभरा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि छोटे राज्यों की तुलना में अकेले भरूच में बड़ी संख्या में औद्योगिक इकाइयां हैं। मोदी ने अंकलेश्वर में नया हवाई अड्डा बनाने की घोषणा की। इसके बन जाने से गुजरात निर्यात बढ़ाने में अहम भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश की आदिवासी आबादी को विकास की मुख्यधारा में लाने के लिए सरकार अथक प्रयास कर रही है। पीएम मोदी ने समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन पर भी शोक व्यक्त किया और उनकी स्मृतियों को याद किया।प्रधानमंत्री ने जंबूसर में ढाई हजार करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले पहले बल्क ड्रग पार्क की आधारशिला रखी। उन्होंने दहेज में कई औद्योगिक पार्कों के साथ डीप सी पाइपलाइन परियोजना की नींव भी रखी, जिनमें भरूच के वालिया, बनासकांठा के अमीरगढ़, दाहोद के चकालिया और छोटा उदयपुर में वानर में चार जनजातीय औद्योगिक पार्क शामिल हैं। प्रधानमंत्री ने दहेज में एग्रोफूड पार्क, सी-फूड पार्क और एम.एस.एम.ई. पार्क की भी आधारशीला रखी। उन्होंने दहेज में ही आठ सौ टीपीडी के कास्टिक सोडा संयंत्र का भी लोकार्पण किया।पीएम मोदी ने आणंद में एक रैली को भी संबोधित किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 October 2022

चीन में, पेइचिंग, शंघाई और हांगकांग में दुर्गापूजा पारम्‍परिक हर्षोल्‍लास के साथ मनाया गया

प्रसिद्ध भरतनाट्यम नर्तक जिन शानशान ने अपनी कला का प्रदर्शन किया   चीन में, पेइचिंग में भारतीय दूतावास के स्‍वामी विवेकानंद सांस्‍कृतिक केंद्र-एसवीसीसी और शंघाई, ग्‍वांग्‍झू तथा हांगकांग में भारतीय महावाणिज्‍य दूतावास में दुर्गापूजा पारम्‍परिक हर्षोल्‍लास के साथ मनाया गया। सामुदायिक समूह ''द बीजिंग बोंग्‍स'' के नेतृत्‍व में बीजिंग के विभिन्‍न हिस्‍सों के भारतीय समुदाय ढाक की थाप के बीच मां दुर्गा की पारम्‍परिक पूजा में शामिल हुए। इस आयोजन में चीन के प्रसिद्ध भरतनाट्यम नर्तक जिन शानशान ने अपनी कला का प्रदर्शन किया। भारतीय समुदाय ने भी अपनी साझा विरासत को दर्शाने वाली सुंदर प्रस्‍तुति दी। चीन में भारत के राजदूत प्रदीप रावत ने विभिन्न त्योहारों को आयोजित करने के भारतीय समुदाय के लगातार प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि बुराई पर अच्छाई की जीत का दुर्गापूजा का मूल संदेश हर काल में प्रासंगिक रहेगा।    यूनेस्को ने 2021 में दुर्गा पूजा को 'मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत' घोषित किया था। दुर्गा पूजा का आयोजन सामाजिक और कलात्मक गतिविधियों का स्‍थल भी बन गया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 October 2022

प्रधानमंत्री तीन दिन की गुजरात यात्रा पर जायेंगे

  14 हजार 500 करोड़ रुपए  की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्‍यास करेंगे   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तीन दिन की यात्रा पर आज दोपहर बाद गुजरात पहुंचेंगे। यात्रा के पहले दिन प्रधानमंत्री शाम उत्‍तरी गुजरात के मेहसाणा जिले के मोढेरा में तीन हजार नौ सौ करोड रूपये से अधिक की परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे और राष्‍ट्र को समर्पित करेंगे।  परियोजनाओं में 511 करोड रूपये की साबरमती जागुदन गॉज कंवर्ज़न परियोजना की शुरूआत और ओ एन जी सी नंदासन सरफेस फैसिलिटी का उदघाटन शामिल है।  सूर्य मंदिर में दर्शनों का लाभ लेंगे पीएम प्रधानमंत्री कार्यालय के ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, पीएम मोदी आज शाम करीब साढ़े पांच बजे मेहसाणा के मोढेरा में कई परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। जिसके बाद वो शाम करीब 6:45 पर मोधेश्वरी माता मंदिर में दर्शन और पूजा करेंगे और शाम 7:30 पर सूर्य मंदिर में दर्शनों का लाभ लेंगे। जामनगर में परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास दौरे के दूसरे दिन 10 अक्टूबर को सुबह करीब 11 बजे पीएम मोदी भरूच के आमोद में विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे। दोपहर करीब 3:15 पर प्रधानमंत्री अहमदाबाद में मोदी शैक्षणिक संकुल का उद्घाटन करेंगे। इसके बाद शाम साढ़े पांच बजे प्रधानमंत्री जामनगर में परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 October 2022

निर्वाचन आयोग ने शिवसेना के चुनाव चिन्ह पर लगाई रोक

  एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे को नए चुनाव चिन्ह का चयन करने को कहा   निर्वाचन आयोग ने महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और वर्तमान मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे- दोनों गुटों पर शिवसेना का नाम और पार्टी के प्रतीक-चिह्न तीर-धनुष का उपयोग करने पर रोक लगा दी है। यह रोक अंधेरी-पूर्व विधानसभा उप-चुनाव के लिए लगाई गई है। आयोग ने एक अंतरिम आदेश जारी कर दोनों प्रतिद्वंद्वी गुटों पर इस मामले में अंतिम निर्णय होने तक पाबंदी लगा दी है ताकि वे अपने अधिकारों और हितों की रक्षा कर सकें। आयोग ने कहा कि दोनों गुट अब नए नाम से जाने जाएंगे और यह नाम शिवसेना शब्द से जुड़ा भी हो सकता है। आयोग ने यह भी कहा है कि दोनों गुटों को उप-चुनाव के लिए अपना नया प्रतीक-चिह्न चुनना होगा। आयोग ने दोनों गुटों से कहा है कि वे अपना नया नाम और प्रतीक चिह्न सोमवार दोपहर एक बजे तक आयोग को उपलब्ध करा दे। आपको बता दें उद्धव ठाकरे और सीएम शिंदे ने शिवसेना होने का दावा किया था। जिसको लेकर यह मामला चुनाव आयोग पहुंचा था।  इसमें शिंदे ने दावा किया था की असली शिवसेना उनकी है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 October 2022

जम्‍मू-कश्‍मीर ने 75 अमृत सरोवर की स्‍थापना सबसे पहले करने की उपलब्धि हासिल की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आकांक्षाओं के अनुरूप किया गया कार्य    जम्‍मू-कश्‍मीर ने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मादी की आकांक्षाओं के अनुरूप प्रत्‍येक जिले में कम से कम 75 अमृत सरोवर की स्‍थापना सबसे पहले करने की उपलब्धि हासिल की है। मुख्य सचिव डॉक्‍टर अरुण कुमार मेहता ने कल श्रीनगर में ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा बैठक में यह जानकारी दी। उन्‍होंने अधिकारियों से कहा कि वे यहीं रुकें नहीं बल्कि पूरे जम्मू-कश्मीर में इन ग्रामीण संपत्तियों को और बेहतर बनाने के लिए कड़ी मेहनत करें। जम्मू-कश्मीर ने योजना को मिशन मोड में लागू करना शुरू कर दिया है। योजना की शीर्ष स्तर की निगरानी और कार्यान्वयन के लिए वन, संस्कृति, राजस्व, जल शक्ति जैसे विभागों की भागीदारी के साथ मुख्य सचिव की अध्यक्षता में केन्‍द्रशासित प्रदेश स्तर की समिति का गठन किया गया है। मिशन के दिशा-निर्देशों के अनुसार, केंद्र शासित प्रदेश को इस वर्ष 15 अगस्त से पहले तीन सौ अमृत सरोवर और अगले साल 15 अगस्त तक डेढ हजार अमृत सरोवर का काम पूरा करना है। वित्त विभाग ने इन अमृत सरोवरों के कायाकल्प और निर्माण के लिए 50 करोड़ रुपये जारी किए हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 October 2022

नोबेल शांति पुरस्कार बेलारूस के एलेस बियालियात्स्की के साथ मानवाधिकार संगठनों को

 रूसी मानवाधिकार संगठन मेमोरियल , सेंटर फॉर सिविल लिबर्टीज को मिलेगा नोबेल पुरस्कार    इस वर्ष का नोबेल शांति पुरस्कार बेलारूस के मानवाधिकार अधिवक्ता एलेस बियालियात्स्की, रूसी मानवाधिकार संगठन और यूक्रेन के मानवाधिकार संगठन सेंटर फॉर सिविल लिबर्टीज को देने की घोषणा की गयी है। नार्वे की नोबेल समिति के अध्यक्ष बेरिट रीस एंडरसन ने ओस्‍लो में इन नामों की घोषणा की। रूस के करेलिया में 25 सितंबर, 1962 को जन्मे एलेस बियालियात्स्की सबसे पहले 1980 के दशक में बेलारूस के लोकतांत्रिक आंदोलन के अग्रणी नेता बने। उन्होंने अपना जीवन लोकतंत्र और शांतिपूर्ण विकास को प्रोत्‍साहित करने के प्रति समर्पित किया है। उन्होंने 1996 में एक संगठन बनाया जो व्यापक रूप से मानवाधिकार संगठन बना। इस संगठन ने राजनीतिक कैदियों के खिलाफ यातनाओं का कड़ा विरोध किया।एलेस बियालियात्स्की को कई जगहों पर व्‍यापक विरोध का सामना करना पड़ा। वर्तमान में एलेस बिना मुकदमा चलाये  2020 के बाद से हिरासत में है।  व्यक्तिगत कठिनाईयों के बावजूद, एलेस बियालियात्स्की बेलारूस में मानवाधिकारों और लोकतंत्र के लिए अपनी लड़ाई में अब भी डटे हुए हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 October 2022

गृहमंत्री अमित शाह ने असम में बाढ की स्थिति की गुवाहाटी में समीक्षा बैठक की

नम-भूमि की रक्षा , कायाकल्प करने ,उसकी क्षमता बढ़ाने ठोस कार्य योजना बने    गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि असम को विकास के मार्ग पर आगे बढाने और महत्वपूर्ण निजी निवेश को आकर्षित करने के लिए राज्‍य को बाढ़ से सुरक्षा प्रदान करना महत्वपूर्ण आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि राज्‍य को ऐसी दीर्घकालिक योजना बनानी चाहिए जो आने वाले दशकों में बाढ़ से सुरक्षा प्रदान करें और केवल अल्पकालिक उपायों पर निर्भर न रहे। कल गुवाहाटी में असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के साथ राज्य में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा बैठक में शाह ने कहा कि असम सरकार को राज्य में नम-भूमि की रक्षा और कायाकल्प करने और उसकी क्षमता बढ़ाने के लिए एक ठोस कार्य योजना के साथ आना चाहिए ताकि वे बाढ़ के दौरान जल ग्रहण क्षेत्रों के रूप में भी कार्य कर सकें।शाह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा के साथ कोर कमेटी की बैठक में शामिल हुए। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 October 2022

भारतीय वायुसेना ने अपनी स्‍थापना और उत्‍कृष्‍ट सेवा के 90 वर्ष पूरे किए

  अग्निपथ योजना में वायुसेना में वायु सैनिकों की नियुक्ति एक चुनौती    भारतीय वायुसेना ने आज अपनी स्‍थापना और उत्‍कृष्‍ट सेवा के 90 वर्ष पूरे कर लिए हैं। वायुसेना दिवस समारोह  चण्‍डीगढ में बैण्‍ड मार्च और परेड के साथ शुरू हुआ। दोपहर बाद सुखना लेक पर एक विशेष फ्लाईपास्‍ट का आयोजन किया जा रहा है। वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी ने कहा कि भारतीय वायु सेना ने कठिन परिश्रम, धैर्य और पूर्व अनुभवों से  गौरवशाली  उपलब्धि हासिल की है। उन्‍होंने इसे हासिल करने में वीर वायु सैनिकों के योगदान को रेखांकित करते हुए कहा कि अब इस परम्‍परा को आगे ले जाना है।   एयर चीफ मार्शल ने कहा कि अग्निपथ योजना के माध्‍यम से वायुसेना में वायु सैनिकों की नियुक्ति  सबके लिए एक चुनौती है, लेकिन साथ ही यह भारतीय युवाओं की क्षमता उजागर करने और इसे राष्‍ट्र की सेवा में लगाने का अवसर भी है। वायुसेना प्रमुख ने कहा कि प्रत्‍येक अग्निवीर को समुचित कौशल और जानकारी उपलब्‍ध कराने के लिए वायुसेना ने अपनी संचालनगत प्रशिक्षण पद्धति में बदलाव किया है। इस वर्ष दिसम्‍बर में तीन हजार अग्निवीरों का आरंभिक प्रशिक्षण शुरू किया जाएगा। आने वाले वर्षों में यह संख्‍या बढाई जाएगी। उन्‍होंने कहा कि अगले वर्ष से महिला अग्निवीरों को शामिल करने पर भी विचार किया जा रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 October 2022

दिल्‍ली हवाई अड्डे पर 28 करोड़ रुपए से अधिक की घडियों की तस्‍करी

  घडियों की तस्‍करी के आरोप में एक व्‍यक्ति को गिरफ्तार किया गया   दिल्‍ली हवाई अड्डे पर सीमा शुल्‍क अधिकारियों ने 28 करोड़ रुपए से अधिक की घडियों की तस्‍करी के आरोप में एक व्‍यक्ति को गिरफ्तार किया है। दिल्‍ली सीमा शुल्‍क विभाग के ट्वीट में बताया गया है कि दुबई से दिल्‍ली पहुंचे एक भारतीय नागरिक से दुर्लभ रत्‍नों से जड़ी सात घडियां बरामद की गई हैं। जब्‍त की गई घडियों में जैकब एंड कंपनी और रॉलेक्‍स जैसे महंगे अंतरराष्‍ट्रीय ब्रांड की घडियां शामिल हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 October 2022

त्‍वरित कार्रवाई बल देश में शांति और सभी क्षेत्रों में देश की प्रगति में मदद में महत्वपूर्ण

भारत को पारंपरिक ज्ञान ,आध्यात्मिक नेतृत्व के लिए दुनिया भर में पहचाना जा रहा     केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्र ने कहा है कि त्‍वरित कार्रवाई बल देश में शांति बनाए रखने और सभी क्षेत्रों में देश की प्रगति में मदद करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। हैदराबाद में आज बल की 30वीं वर्षगांठ परेड को संबोधित करते हुए मिश्रा ने कहा है कि पूरी दुनिया भारत को सम्मान की दृष्टि से देख रही है। उन्‍होंने कहा कि आंतरिक स्थितियां बदल रही हैं। भारत को उसके पारंपरिक ज्ञान और आध्यात्मिक नेतृत्व के लिए दुनिया भर में पहचाना जा रहा है।   आपदा प्रबंधन, बचाव और राहत कार्यों जैसी आपात स्थितियों से निपटने में बल की विशेषज्ञता की सराहना करते हुए गृह राज्‍यमंत्री ने कहा कि यह उत्कृष्ट सेवाएं प्रदान कर रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार सकारात्मक बदलाव लाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है और सभी विकास शांति से जुड़े हैं। उन्होंने आगे कहा कि केंद्रीय पुलिस बलों की स्थिति में सुधार के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं। 1992 से, विशेष त्‍वरित कार्रवाई बल की पंद्रह बटालियनें बनाई गई हैं। वर्तमान में ये देश भर के 15 शहरों में रणनीतिक रूप से स्थित हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 October 2022

अमरीका के राष्ट्रपति जो बाइडेन का बयान

  1962 के क्यूबा मिसाइल संकट के बाद से परमाणु युद्ध का जोखिम अपने उच्चतम स्तर पर   अमरीका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा है कि 1962 के क्यूबा मिसाइल संकट के बाद से परमाणु युद्ध का जोखिम अपने उच्चतम स्तर पर है। उन्होंने कहा कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन में असफलताओं के बाद सामरिक परमाणु हथियारों का उपयोग करने की बात गंभीरतापूर्वक कही थी।अमरीका और यूरोपीय संघ पहले कह चुके हैं कि पुतिन के परमाणु हमले को गंभीरता से लिया जाना चाहिए। हालांकि, अमरीका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने हाल में कहा था कि रूस के परमाणु हथियारों के इस्‍तेमाल की धमकी के बावजूद अमरीका ने इसकी तैयारी का कोई संकेत नहीं देखा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 October 2022

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक जिला एक उत्‍पाद योजना को बढ़ावा

  आकांक्षी जिलों को और अधिक विकसित करने का आह्वान किया   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रशासनिक अधिकारियों से एक जिला एक उत्पाद पर ध्यान केंद्रित करते हुए अपने जिले के उत्पादों के निर्यात के अवसर तलाशने को कहा है। उन्होंने अधिकारियों से आकांक्षी जिलों के और विकास के लिए अपनी कार्य योजना तैयार करने को भी कहा है। कल नई दिल्ली में भारतीय प्रशासनिक सेवा के 2020 बैच के अधिकारियों को संबोधित करते हुए  मोदी ने कहा कि अधिकारियों को अमृतकाल में देश की सेवा करने और पंच प्रण के लक्ष्‍य को प्राप्‍त करने का अवसर मिला है। अमृतकाल में विकसित भारत के लक्ष्य की प्राप्ति सुनिश्चित करने में प्रशासनिक अधिकारियों की अहम भूमिका है। प्रधानमंत्री ने लीक से हटकर सोचने और समग्र दृष्टिकोण अपनाने के महत्व पर बल दिया। मोदी ने इस तरह के समग्र दृष्टिकोण के महत्व को स्‍पष्‍ट करने के लिए प्रधानमंत्री गतिशक्ति मास्टर प्लान का भी उल्‍लेख किया। प्रधानमंत्री ने नवाचार के महत्व पर भी चर्चा की। उन्‍होंने बताया कि यह कैसे सामूहिक प्रयासों और देश की कार्य संस्कृति का हिस्सा बन गया है। उन्होंने स्टार्ट-अप इंडिया योजना की चर्चा करते हुए बताया कि पिछले कुछ वर्षों में देश में स्टार्टअप्स की संख्या में किस तरह से काफी बढ़ोतरी हुई है। मोदी ने कहा कि शासन का ध्यान अब दिल्ली से बाहर, देश के सभी क्षेत्रों में केन्द्रित हो गया है। उन्होंने उदाहरण दिया कि महत्वपूर्ण योजनाएं अब दिल्ली के बाहर शुरू हो रही हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 October 2022

राष्‍ट्रीय महिला आयोग का कांग्रेस नेता उदित राज को नोटिस

राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मु के प्रति अभद्र टिप्‍पणी के लिए नोटिस    भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस की इस बात के लिए आलोचना की है कि उसके नेता उदित राज ने राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मु के प्रति आपत्तिजनक ट्वीट किया है। भाजपा प्रवक्‍ता संबित पात्रा ने बताया कि राष्‍ट्रपति के बारे में कांग्रेस नेता द्वारा प्रयोग किये गये शब्‍द दुर्भाग्‍यपूर्ण हैं और यह पहला मौका नहीं है जब कांग्रेस नेता ऐसी भाषा का इस्‍तेमाल कर रहे हैं। भाजपा के एक अन्‍य प्रवक्‍ता गुरू प्रकाश ने कहा कि कांग्रेस के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता  ने राष्‍ट्रपति पद पर पहुंची देश के जनजातीय समुदाय की पहली महिला के बारे में जिस तरह की भाषा का प्रयोग किया है वह माफी के काबिल नहीं है। इसके लिए क्षमा याचना की मांग करते हुए श्री प्रकाश ने कहा कि कांग्रेस को स्‍पष्‍ट करना चाहिए कि क्‍या पार्टी प्रवक्‍ता उदित राज की टिप्‍पणी पार्टी की विचारधारा को दर्शाती है। इस बीच, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के बारे में कांग्रेस नेता उदित राज के बयान पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने उन्‍हें नोटिस भेजा है और उनसे माफी मांगने को कहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 October 2022

केरल सड़क दुर्घटना पर केरल उच्‍च न्‍यायालय ने स्वत: संज्ञान लिया

केरल उच्‍च न्‍यायालय ने  कार्यवाही शुरू की   केरल उच्‍च न्‍यायालय ने पालकाड जिले में वेडक्‍कनचेरि में हुई बस दुर्घटना से उत्‍पन्‍न स्थिति पर स्‍वत: कार्रवाई शुरू कर दी है। न्‍यायमूर्ति अनिल के0 नरेन्‍द्रन और न्‍यायम‍ूर्ति पी0 जी0 अजित कुमार की खंडपीठ ने पुलिस और मोटरवाहन विभाग से दुर्घटना के बारे में रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है। पीठ ने जानना चाहा कि दुर्घटनाग्रस्‍त टूरिस्‍ट बस में प्रतिबंधित फ्लैश लाइटें और तेज आवाज में म्‍युजिक सिस्‍टम चलाने की अनुमति कैसे दी गई।   स्‍कूली बच्‍चों को लेकर एर्णाकुलम से ऊटी जा रही यह टूरिस्‍ट बस केरल राज्‍य सड़क परिवहन निगम की बस के पीछे से टकराकर उलट गई जिससे नौ व्‍यक्तियों की मृत्‍यु हो गई।  मृतकों में एक शिक्षक और पांच स्‍कूली बच्‍चे थे। दुर्घटना में राज्‍य परिवहन निगम की बस के तीन यात्री भी मारे गये। इस हादसे में 60 लोग घायल हो गये। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 October 2022

पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में अचानक आई बाढ़

    आठ लोगों की मौत, प्रधानमंत्री ने दुर्घटना पर दुख व्‍यक्‍त किया   पश्चिम बंगाल के जलपाईगुडी जिले में कल रात माल नदी का जलस्तर अचानक बढ जाने से मालबाजार में आठ लोगों की मृत्यु हो गई और कई लोग लापता हैं। यह हादसा मॉं दुर्गा की प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान हुआ। अधिकारियों ने कहा है कि कई लोगों के लापता होने की वजह से मृतकों की संख्या और अधिक हो सकती है। रात करीब साढे आठ बजे लोग मूर्ति विसर्जन के लिए मालनदी में प्रवेश कर गए। उन्हें नदी का जलस्तर बढ जाने का पता नहीं चला। कई लोग नदी में बह गए। सूत्रों ने बताया है कि घायलों को मालबाजार सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रत्यक्षदर्शियों ने आरोप लगाया है कि दुर्घटनास्थल पर कोई बचाव दल मौजूद नहीं था।      राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और नागरिक सहायता विभाग के कर्मचारियों को बचाव कार्यों में लगाया गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस दुर्घटना में लोगों की जान जाने पर दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी बचाव कार्यों पर नजर रखे हुए हैं। उन्होंने इस हादसे पर दुख व्यक्त किया है और प्रत्येक मृतक के निकटतम परिजन को दो लाख रूपये और प्रत्येक घायल को पचास हजार रूपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 October 2022

उत्‍तर कोरिया ने आज जापान पर मध्‍यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल का प्रक्षेपण किया

  प्रक्षेपित मिसाइल जापान के ऊपर से होता हुआ प्रशांत महासागर में गिरा   उत्‍तर कोरिया ने पिछले पांच वर्ष में पहली बार आज जापान पर मध्‍यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल का प्रक्षेपण किया। इसके कारण जापान को स्‍थल खाली कराने का नोटिस जारी करना पड़ा और प्रक्षेपण के दौरान रेलगाडि़यों का परिचालन रोकना पड़ा। आज का प्रक्षेपण पिछले दस दिन के दौरान उत्‍तर कोरिया का पांचवां परीक्षण था। जापान के प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया कि उत्‍तर कोरिया से प्रक्षेपित मिसाइल जापान के ऊपर से होता हुआ प्रशांत महासागर में गिरा। जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने कहा कि उत्‍तर कोरिया की यह कार्रवाई निन्‍दनीय है। जापान के मुख्‍य केबिनेट सचिव हिरोकाजु मात्‍सुनो ने कहा कि फिलहाल किसी नुकसान की खबर नहीं है। जापान में वर्ष 2017 के बाद से पहली बार जे-अलर्ट जारी कर पूर्वोत्‍तर क्षेत्र के निवासियों को किसी अन्‍य स्‍थान पर जाने का निर्देश दिया गया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 October 2022

केन्‍द्रीय गृहमंत्री अमित शाह जम्‍मू कश्‍मीर के तीन दिन के दौरे पर

शाह ने माता वैष्‍णों देवी मन्दिर में पूजा-अर्चना की   गृह मंत्री  शाह केन्‍द्रशासित प्रदेश जम्‍मू कश्‍मीर के तीन दिन के दौरे पर हैं। केन्‍द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आज सुबह माता वैष्‍णों देवी मन्दिर में पूजा-अर्चना की।  इस मौके पर उपराज्‍यपाल मनोज सिन्‍हा, केन्‍द्रीय मंत्री डॉक्‍टर जितेन्‍द्र सिंह तथा वरिष्ठ प्रशासनिक और श्राइन बोर्ड के अधिकारी भी उनके साथ थे। आपको बता दें अमित शाह राजौरी में एक विशाल रैली को सम्‍बोधित करेंगे। वे जम्‍मू कन्‍वेन्‍शन सेन्‍टर में विभिन्‍न विकास परियोजनाओं का उदघाटन करेंगे और आधारशिला रखेंगे। कल शाम जम्‍मू के राज भवन पहुंचने के बाद गृहमंत्री ने नागरिक समाज, प्रमुख व्‍यवसायियों और विभिन्‍न संगठनों के प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात की। गृहमंत्री द्वारा जम्‍मू कश्‍मीर में 14 शहरी विकास परियोजनाएं, 48 सड़क परियोजनाएं, आठ पुल और दस बिजली पारेषण परियोजनाओं का उदघाटन किये जाने की संभावना है। वे जलजीवन मिशन के तहत 41 जलापूर्ति योजनाओं की आधारशिला रखेंगे। श्री शाह 225 ऑनलाइन जन सेवाओं का भी शुभारम्‍भ करेंगे और जिला कुशल प्रशासन सूचकांक 2021-22 का दूसरा संस्करण जारी करेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 October 2022

ईरानी यात्री जेट विमान में बम की धमकी के बाद भारतीय वायु सेना अलर्ट

  दिल्ली में सरकार ने विमान उतारने से मना किया ,विमान चीन की ओर बढ़ा    भारतीय हवाई क्षेत्र से जा रहे ईरानी यात्री जेट विमान में बम की धमकी के बाद भारतीय वायु सेना अलर्ट मोड  पर है। ईरान से आ रहे विमान ने दिल्ली में उतरने की अनुमति मांगी जिसे सरकार ने नामंजूर कर दिया।  इस विमान को दूसरी जगह उतरने की अनुमति दी गई।  लेकिन विमान के पायलट ने वहां जाने से मना कर दिया।  इसके साथ ही सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई है। इस बीच लगातार विमान की निगरानी कर रही है। तेहरान से चीन के ग्वांगझू जा रहे महान एयर ने दिल्ली हवाई अड्डे के ATC से संपर्क किया।  दिल्ली में तत्काल लैंडिंग के लिए अनुमति मांगी। दिल्ली ATC ने विमान को जयपुर जाने का सुझाव दिया लेकिन विमान के पायलट ने मना कर भारतीय हवाई क्षेत्र छोड़ दिया। ईरान का विमान जब भारतीय हवाई क्षेत्र में था, तब विमान में बम की खबर मिलने से हड़कंप मच गया। भारत ने विमान को दिल्ली में उतरने नहीं दिया। बम की खबर मिलते ही भारतीय वायुसेना भी अलर्ट पर आ गई है। वायु सेना ने पंजाब और जोधपुर एयरबेस से उड़ान के पीछे दो सुखोई विमान लगाए। वायुसेना ने दो सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमानों को तैनात किया और उन्हें अपने पीछे रख लिया। ईरानी विमान ने दिल्ली एयरबेस पर उतरने की इजाजत मांगी गई थी, लेकिन अनुमति से इनकार कर दिया गया था। विमान की निगरानी के लिए उसके पीछे दो सुखोई विमान तैनात किए गए। हालांकि बाद में विमान में किसी तरह का कोई बम नहीं मिलने पर इसे चीन की ओर जाने दिया गया। बाद में सुरक्षा एजेंसियां ​​लगातार चीन की ओर जाने वाले रास्ते पर कड़ी नजर रही हैं।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 October 2022

सरकार देशभर में 5जी प्रौद्योगिकी के लिए सौ प्रयोगशालाएं स्‍थापित करेगी

  संचार मंत्री अश्‍वि‍नी वैष्‍णव ने कहा -विद्यार्थियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा    दूरसंचार मंत्री अश्‍विनी वैष्‍णव ने कहा है कि सरकार ने देशभर में 5जी प्रौद्योगिकी के लिए सौ प्रयोगशालाएं स्‍थापित करने की योजना बनाई है। इनमें से कम से कम 12 प्रयोगशालाओं में विद्यार्थियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा और प्रयोग किए जाएंगे। उन्‍होंने इंडिया मोबाइल कॉंग्रेस में भाग ले रही कंपनियों से नये दूरसंचार विधेयक के बारे में सुझाव देने को कहा। इस विधेयक का उद्देश्‍य लाइसेंस व्‍यवस्‍था को सरल बनाना है। श्री वैष्‍णव ने कहा कि सरकार सभी दूरसंचार कंपनियों के लिए लाइसेंस व्‍यवस्‍था को सरल बनाने की दिशा में काम कर रही है। दूरसंचार मंत्री ने कहा कि स्‍टार्टअप और सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों की ऊर्जा को देखकर वह प्रसन्‍न है, क्‍योंकि ये दोनों लोगों के फायदे के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में जा रहे हैं। स्‍वदेशी दूरसंचार गियर निर्माता हिमाचल फ्यूचरिस्टिक कम्युनिकेशंस लिमिटेड -एचएफसीएल ने 5जी सॉल्‍यूशन्‍स और सेवाओं की शुरुआत में तेजी लाने के लिए सेवा के तौर पर 5जी प्रयोगशाला शुरू करने की घोषणा की है। यह निजी क्षेत्र के लिए स्‍वचालित जांच वातावरण प्रदान करेगी, जबकि अकादमिक क्षेत्र और सरकार अवधारणा से वास्‍तविकता तक उत्‍पाद नवप्रवर्तन के लिए मिलकर काम करेंगे। वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि 5जी का शुभारंभ न केवल भारत अपितु विश्‍व के लिए महत्‍वपूर्ण क्षण बनने वाला है। उन्‍होंने कहा कि हम अब सामान का स्‍वदेशी डिजाइन, विकास और विनिर्माण कर रहे हैं और विश्‍व को अपना स्‍तर और गति प्रदर्शित कर रहे हैं, जिससे हम 5जी को भारत के कोने-कोने तक ले जा सकेंगे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 October 2022

स्‍वदेश में निर्मित हल्‍के लड़ाकू हेलीकॉप्‍टर औपचारिक रूप से भारतीय वायु सेना में शामिल

  हल्‍के लड़ाकू हेलीकॉप्‍टरों को प्रचंड नाम दिया गया    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज स्‍वदेश में निर्मित हल्‍के लड़ाकू हेलीकॉप्‍टर को औपचारिक रूप से भारतीय वायु सेना में शामिल किया। राजस्‍थान में जोधपुर वायु सेना केन्‍द्र पर समारोह आयोजित हुआ। इन हेलीकॉप्‍टरों को 143 हेलीकॉप्टर यूनिट में शामिल किया जाएगा। हल्‍के लड़ाकू हेलीकॉप्‍टरों को प्रचंड नाम दिया गया है। समारोह को संबोधित करते हुए, रक्षामंत्री  राजनाथ सिंह ने कहा कि हल्‍के लड़ाकू हेलीकॉप्‍टरों के शामिल होने से वायु सेना की युद्धक क्षमता बढ़ेगी और आत्‍मनिर्भर भारत की दिशा में यह एक बड़ी उपलब्धि है। रक्षामंत्री ने कहा कि कारगिल युद्ध के दौरान इन लड़ाकू हेलीकॉप्टरों की जरूरत महसूस हुई थी और इस मांग को पूरा करने के लिए दो दशकों से प्रयास किये जा रहे थे।   हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने इन हेलीकॉप्‍टरों को विकसित किया है। अत्याधुनिक आधुनिक लड़ाकू हेलीकॉप्टरों को ऊंचाई वाले क्षेत्रों में तैनाती के लिए डिज़ाइन किया गया है। दुनिया में ये ऐसे हेलीकॉप्‍टर हैं जो काफी भार के साथ पांच हजार मीटर की ऊंचाई पर हथियार और ईंधन लेकर उड़ान भर सकते हैं और उतरने में सक्षम हैं।    इन हेलीकॉप्टरों में दो शक्तिशाली इंजन लगे हैं और इनमें राडार से बचने की विशेष क्षमता है। इनकी अन्‍य विशेषताओं में हर मौसम के अनुकूल काम करना, सुरक्षा कवच, रात में हमले की क्षमता और दुश्‍मन का पीछा करते हुए सटीक निशाना लगाना शामिल है। हल्‍के लड़ाकू हेलीकॉप्‍टर पांच सौ पचास किलोमीटर तक उड़ान भरने में सक्षम हैं और छह हजार पांच सौ मीटर तक ऊंचाई तक जा सकते हैं। यह हेल‍ीकॉप्‍टर हवा से हवा और हवा से जमीन पर मार करने वाली मिसाइलों, 70 एमएम रॉकेट और 20 एमएम की बंदूक की सुविधाओं से युक्‍त हैं।   हल्‍क‍े लड़ाकू हेलीकॉप्‍टर कई तरह की भूमिकाएँ निभा सकता है, इनमें युद्ध के दौरान तलाश और बचाव, दुश्मन की वायु रक्षा को नष्ट करना और जंगल तथा शहरी क्षेत्रों में आतंकवाद रोधी अभियानों के लिए काम करना शामिल हैं। मंत्रिमंडल की सुरक्षा समिति ने इस साल मार्च में 15 स्वदेशी हल्‍के लड़ाकू हेलीकॉप्‍टरों की खरीद को मंजूरी दी थी। इन हल्‍के लड़ाकू हेलीकॉप्‍टरों के भारतीय वायु सेना में शामिल होने से आत्‍मनिर्भर भारत अभियान को और गति मिलेगी। सरकार आयात को कम करने के लिए आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत, रक्षा उपकरणों के देश में ही निर्माण करने को बढ़ावा दे रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 October 2022

घरेलू आवश्‍यकताओं को पूरा करने के लिए देश में अनाज का पर्याप्‍त भण्‍डार

  गेंहू तथा चावल के मामले में निर्यात संबंधी विनियम लागू किये गये हैं   केन्‍द्र ने बल देकर कहा है कि घरेलू आवश्‍यकताओं को पूरा करने के लिए देश में अनाज का पर्याप्‍त भण्‍डार है। उपभोक्‍ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने बताया है कि वह गेंहू और चावल सहित आवश्‍यक वस्‍तुओं के मूल्‍य परिदृश्‍य पर नियमित रूप से नजर रख रहा है और जहां भी आवश्‍यकता होती है, सुधारात्‍मक उपाय किये जाते हैं। एक बयान में मंत्रालय ने बताया कि गेंहू और चावल के खुदरा और थोक मूल्‍यों में कमी आई है तथा गेंहू के आटे की कीमत पिछले सप्‍ताह के दौरान स्थिर रही। केन्‍द्र ने किसी भी तरह की मूल्‍य वृद्धि से बचने के लिए सक्रिय कदम उठाये हैं और गेंहू तथा चावल के मामले में निर्यात संबंधी विनियम लागू किये गये हैं। कीमतों पर काबू पाने और समाज के कमजोर वर्गों को किसी भी कठिनाई से बचाने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना तीन महीने के लिए आगे बढ़ा दी है। इससे आगामी त्‍यौहारों के मौसम के दौरान देश में गरीबों और जरूरतमंद लोगों को किसी तरह की कठिनाई नहीं होगी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 October 2022

इंडोनेशिया में फुटबॉल मैच के दौरान भगदड़ में 174 लोगों की मौत

  इंडोनेशियाई फुटबॉल लीग के मैच में अफरा-तफरी और हिंसा के बाद भगदड़   इंडोनेशिया में एक फुटबॉल मैच के दौरान मची भगदड़ में 174 लोग मारे गये और करीब 180 घायल हो गए। इंडोनेशियाई फुटबॉल लीग के कल रात खेले गये मैच में अफरा-तफरी और हिंसा के बाद भगदड़ मच गई। पुलिस प्रमुख निको अफिन्‍ता (NICO AFINTA) ने कहा कि मैच हार रही टीम के समर्थक मैदान में घुस गए। उन्‍हें नियंत्रित करने के लिए पुलिस को आंसू गैस छोड़नी पड़ी जिसके बाद भगदड़ शुरू हो गई। बताया गया है कि स्‍टेडियम में इसकी 38 हजार की क्षमता से करीब 4 हजार दर्शक अधिक प्रवेश कर गए थे। इंडोनेशिया के खेल और युवा कार्य मंत्री जै़नुदीन अमाली ने  दुर्घटना की जांच के आदेश दिये हैं। राष्‍ट्रपति जोको विदोदो ने जांच सम्‍पन्‍न होने तक फुटबॉल लीग के सभी मैच रद्द करने के आदेश दिये हैं। जलशक्ति मंत्री गजेन्‍द्र सिंह शेखावत ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत दस करोड ग्रामीण घरों में नल के जरिये सुरक्षित और साफ पेयजल उपलब्‍ध कराया गया है। ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने महात्‍मा गांधी के सपनों को धरातल पर लोगों तक पहुंचाया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 October 2022

राष्‍ट्रपति ने  2022 के स्‍वच्‍छ ग्रामीण सर्वेक्षण पुरस्‍कार प्रदान किये

  स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण ग्रामीण का पहला पुरस्‍कार तेलंगाना को   राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने आज नई दिल्‍ली में एक समारोह में स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2022 और जल जीवन मिशन कार्य निष्‍पादन मूल्‍यांकन पुरस्‍कार प्रदान किये। बड़े राज्‍यों की श्रेणी में स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण ग्रामीण का पहला पुरस्‍कार तेलंगाना को, दूसरा हरियाणा और तीसरा पुरस्‍कार तमिलनाडु को दिया गया। छोटे राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों में अंडमान और निकोबार ने पहला पुरस्‍कार प्राप्‍त किया। दादरा और नगर हवेली तथा दमन और दीव को दूसरे स्‍थान के लिए, जबकि सिक्किम को तीसरे स्‍थान के लिए पुरस्‍कार मिला। स्‍वच्‍छ र्स्‍वेक्षण ग्रामीण 2022 का उददेश्‍य स्‍वच्‍छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्‍तर्गत निर्धारित गुणवत्‍ता मानकों के आधार पर राज्‍यों और जिलों को उनके प्रदर्शन के लिए रैंकिंग प्रदान करना है। कार्य निष्‍पादन मूल्‍यांकन पुरस्‍कार राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों में स्‍थानीय स्‍तर पर जल की उपयोगिता के क्षेत्र में प्रदर्शन के आकलन के बाद दिये जाते हैं। जल जीवन मिशन के अन्‍तर्गत प्रत्‍येक वर्ष घरों में जल आपूर्ति की स्थिति का मूल्‍यांकन किया जाता है। इस श्रेणी में पुद्दुचेरी को पहला पुरस्‍कार दिया गया। गोआ दूसरे और तमिलनाडु तीसरे स्‍थान पर रहे। समारोह को सम्‍बोधित करते हुए राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने स्‍वच्‍छता के लिए सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि कोविड महामारी के दौरान स्‍वच्‍छ भारत अभियान और जल जीवन मिशन ने एक सुरक्षा कवच का काम किया। उन्‍होंने कहा कि महात्‍मा गांधी का मानना था कि साफ-सफाई की आदत बचपन से ही डाली जानी चाहिए। श्रीमती मुर्मू ने कहा कि स्‍वच्‍छ भारत मिशन ग्रामीण के दूसरे चरण में देशभर के तीन लाख गांवों में ठोस और तरल अपशिष्‍ट के प्रबंधन का कार्य जारी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 October 2022

राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छ गंगा मिशन के अंतर्गत 1145 करोड़ रुपये की 14 परियोजनाएं मंजूर

  वाराणसी के अस्‍सी नाले के लिए जलशोधन संयंत्र लगाना शामिल   राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छ गंगा मिशन के अंतर्गत एक हजार एक सौ 45 करोड़ रुपये की 14 परियोजनाएं मंजूर की गई हैं। इसके तहत मल-जल निकास प्रबंधन, औद्योगिक प्रदूषण नियंत्रण, रिवर फ्रंट विकास और विकेन्‍द्रीकृत अपशिष्‍ट जलशोधन परियोजनाएं चलाई जाएंगी। इनमें पांच राज्‍यों - उत्‍तराखण्‍ड, उत्‍तर प्रदेश, बिहार, झारखण्‍ड और पश्चिम बंगाल में जल निकास प्रबंधन संबंधी आठ परियोजनाएं शामिल हैं। इन परियोजनाओं को मिशन की 45वीं बैठक में मंजूरी दी गई थी। जल शक्ति मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि राज्‍य के लिए स्‍वीकृत चार परियोजनाओं में वाराणसी के अस्‍सी नाले के लिए जलशोधन संयंत्र लगाना शामिल है। राज्‍य की परियोजनाओं का उद्देश्‍य अस्‍सी घाट, सनमे घाट और नखहा से परिशोधित जल निकासी का लक्ष्‍य हासिल करना है। इसके अतिरिक्‍त, उत्‍तर प्रदेश में हापुड़, बुलंदशहर, बदायूं और मिर्चापुर में एक-एक वायोडायवर्सिटी पार्क स्‍थापित किए जाएंगे। राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छ गंगा मिशन ने गंगा नदी घाटी वाले राज्‍यों में विकेन्‍द्रीकृत अपशिष्‍ट जलशोधन प्रणाली स्‍थापित करने के लिए भी 45 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 October 2022

रूस ने अपने जनमत संग्रह और यूक्रेन के चार क्षेत्रों के विलय की निंदा पर वीटो किया

  रूस का संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव को वीटो किया   रूस यूक्रेन युद्ध के बीच रूस ने यूक्रेन के करीब 15 प्रतिशत भाग पर कब्ज़ा कर जनमत संग्रह कराया। इस दौरान रूस में इसको लेकर सभा भी आयोजित की गई।  जिसमे यूक्रेन में जनमत संग्रह में मौजूद रहे नेता भी पहुंचे। इसके साथ ही युद्ध विराम के लिए कहा गया है। इस दौरान रूस ने कड़े शब्दों में अमेरिका पर निशाना साधा।  रूस ने यूक्रेन के क्षेत्रों के अधिग्रहण की निंदा करने वाले पश्चिमी देशों के एक प्रस्‍ताव को संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा  परिषद में वीटो कर दिया। अमरीका और अल्‍बानिया ने सुरक्षा परिषद में प्रस्‍ताव का मसौदा पेश किया था जिसमें रूस के जनमत संग्रह और यूक्रेन के डोनेट्स, लुहांस्‍क खेरसन और जापोरिजिया क्षेत्रों के अधिग्रहण की निंदा की गई थी। प्रस्‍ताव में रूस से मांग की गई थी कि वह यूक्रेन से तुरंत अपनी सेनाएं हटायें।  15 देशों की सदस्‍यता वाली संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद ने प्रस्‍ताव पर मतदान किया लेकिन रूस के वीटो करने के कारण यह प्रस्‍ताव पारित नहीं हो पाया। परिषद के 15 सदस्‍य देशों में से दस ने प्रस्‍ताव के पक्ष में मतदान किया जबकि चार देशों- भारत, चीन, गेबन और ब्राजील ने मतदान में भाग नहीं लिया।संयुक्‍त राष्‍ट्र में भारत की स्‍थायी प्रतिनिधि रूचिरा कम्‍बोज के अनुसार यूक्रेन की हाल के घटनाक्रम से भारत बहुत चिंतित है और उसका मानना है कि मनुष्‍यों की जीवन की कीमत पर कोई समाधान नहीं निकाला जा सकता। भारत ने संबंधित पक्षों की ओर से हिंसा और द्वेष की सभी गतिविधियों पर तुरंत रोक लगाने के प्रयासों का आह्वान किया। भारत का मानना है कि मतभेदों और विवादों को सुलझाने के लिए संवाद ही एकमात्र रास्‍ता है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 October 2022

पीएम मोदी ने देश में 5जी सेवा की शुरूआत की

     नया भारत केवल उपभोक्ता होने के बजाय प्रौद्योगिकी के विकास और कार्यान्वयन में अग्रणी   प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज नई दिल्‍ली में प्रगति मैदान में आयोजित एक कार्यक्रम से 5-जी सेवाओं की शुरूआत की। 5-जी तकनीक से इंटरनेट की गति तेज होगी, कवरेज का दायरा बढ़ेगा और संपर्क अधिक भरोसेमंद तरीके से किया जा सकेगा। इससे ऊर्जा, स्‍पैक्‍ट्रम और नेटवर्क की कुशलता भी बढ़ेगी। पीएम मोदी ने कहा कि 5-जी सेवा की शुरूआत दूरसंचार उद्योग की ओर से 130 करोड़ भारतीयों के लिए उपहार-स्‍वरूप है। यह एक नये युग में प्रवेश और अनंत अवसरों की शुरूआत है। उन्‍होंने कहा कि 2-जी, 3-जी और 4-जी सेवाओं के दौर में भारत तकनीक के लिए अन्‍य देशों पर निर्भर था, लेकिन 5-जी सेवा की शुरूआत कर देश ने एक नया इतिहास रच दिया है। उन्‍होंने यह भी कहा कि 5-जी सेवाओं के साथ, पहली बार, भारत दूरसंचार तकनीक में एक वैश्विक मानदण्‍ड निर्धारित करेगा। डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि यह कार्यक्रम विकास की एक वृहद संकल्‍पना को समेटे हुए है और इसका उद्देश्‍य ऐसी तकनीक को आम लोगों तक पहुंचाना है जो लोगों के लिए उपयोगी हो और जो लोगों को परस्‍पर जोड़ सके। प्रधानमंत्री ने कहा कि डिजिटल इंडिया की सफलता डिजिटल उपकरण, डिजिटल कनेक्टिविटी, डिजिटल लागत और डिजिटल फर्स्‍ट के दृष्टिकोण पर निर्भर करेगी और सरकार ने इन चारों पहलुओं पर ध्‍यान दिया है। श्री मोदी ने कहा कि हर घर जल और उज्‍ज्‍वला स्‍कीमों की ही तरह सरकार सबके लिए इंटरनेट के लक्ष्‍य पर काम कर रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्ष 2014 में भारत ने मोबाइल बनाने वाली केवल दो इकाईयां थीं, लेकिन अब दो सौ से अधिक मोबइल के कारखाने काम कर रहे हैं। इसी प्रकार, वर्ष 2014 में देश से किसी मोबाइल फोन का निर्यात नहीं होता था, जबकि आज  मोबाइल फोन निर्यात का हमारा कारोबार कई हजार करोड़ रुपये का है। उन्‍होंने यह भी कहा कि वर्ष 2014 में ब्रॉडबैंड के केवल 6 करोड़ प्रयोक्‍ता थे जबकि आज इनकी संख्‍या लगभग 80 करोड़ है। सरकार डिजिटल इंडिया, स्‍टार्टअप इंडिया और मेक इन इंडिया जैसे अग्रणी कार्यक्रमों के जरिए डिजिटल कनेक्टिविटी को बढ़ावा दे रही है। 5-जी सेवाओं के उपलब्‍ध होने से नए कारोबार शुरू होने, कारोबार को अतिरिक्‍त राजस्‍व प्राप्‍त होने और रोजगार के अवसर सृजित होने की संभावना है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने प्रगति मैदान में एक प्रदर्शनी को भी देखा। उन्‍होंने छठी भारतीय मोबाइल कांग्रेस का शुरूआत करने की घोषणा भी की जिसका आयोजन 4 अक्‍टूबर से हो रहा है। इसका विषय है - नया डिजिटल विश्‍व। इससे प्रमुख चिंतकों, उद्यमियों, नवप्रर्वतकों और सरकारी अधिकारियों को एक मंच पर आने का मौका मिलेगा ताकि वे डिजिटल तकनीक के अंगीकरण और प्रसार से उत्‍पन्‍न हो रहे अवसरों पर विमर्श कर सकें और इन्‍हें प्रदर्शित कर सकें। इस अवसर पर संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्‍णव ने कहा कि 5-जी तकनीक से शिक्षा, लॉजिस्टिक्स, स्‍वास्‍थ्‍य, कृषि और बैंकिंग क्षेत्रों में बुनियादी परिवर्तन परिलक्षित होंगे और संभावनाओं के नए द्वार खुलेंगे। उन्‍होंने कहा कि गांव में कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए 35 हजार करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं।  वैष्‍णव ने कहा कि दूरसंचार क्षेत्र डिजिटल भारत का प्रवेश द्वार और आधारशिला है तथा इससे हर व्‍यक्ति तक डिजिटल सेवा की पहुंच संभव हो सकेगी। कार्यक्रम में संचार राज्‍य मंत्री देवू सिंह चौहान, रिलायंस इंडस्‍ट्रीज़ के अध्‍यक्ष मुकेश अंबानी, आदित्‍य बिड़ला ग्रुप के अध्‍यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला और भारती एंटरप्राइजेज के संस्‍थापक सुनील मित्‍तल भी मौजूद थे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 October 2022

ब्याज दर रेपो दर में आधा प्रतिशत की व‍ृद्धि करने का फैसला

रेपो दर बढ़कर पांच दशमलव नौ प्रतिशत हुआ  भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने नीतिगत ब्याज दर रेपो दर में आधा प्रतिशत की व‍ृद्धि करने का फैसला किया है। इसके साथ ही रेपो दर बढ़कर पांच दशमलव नौ प्रतिशत हो गया है। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि समिति ने छह सदस्‍यों में से पांच सदस्‍यों के बहुमत से रेपो दर बढ़ाने का फैसला किया है। इसी तरह स्‍थायी जमा सुविधा यानी स्‍टैंडिंग डिपोजिट फैसलिटी दर को पांच दशमलव छह-पांच प्रतिशत और सीमांत स्‍थायी सुविधा यानी मार्जिनल स्‍टैंडिंग फैसलिटी दर को छह दशमलव एक-पांच प्रतिशत पर समायोजित किया गया है। समिति ने मुद्रास्‍फीति को नियंत्रण में रखने के लिए उदार रूख  को वापिस लेने पर कायम रहने का भी फैसला किया है। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने सकल घरेलू उत्‍पाद की वृद्धि दर सात प्रतिशत रहने का अनुमान व्‍यक्‍त किया है। इससे पहले, रिजर्व बैंक ने सकल घरेलू उत्‍पाद की वृद्धि दर सात दशमलव दो प्रतिशत रहने का अनुमान व्‍यक्‍त किया था। मौजूदा वित्‍त वर्ष में 2022-23 में अन्‍य प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमरीकी डॉलर 14 दशमलव पांच प्रतिशत मजबूत हुआ है। रिजर्व बैंक के गवर्नर ने कहा कि इसकी वजह से अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्रा बाजार में उथल-पुथल मची हुई है। अन्‍य मुद्राओं के मुकाबले भारतीय रुपया व्‍यवस्थित है। इसी अवधि में डॉलर के मुकाबले रुपया सात दशमलव चार प्रतिशत कमजोर हुआ है। उभरती बाजार अर्थव्‍यवस्‍थाओं और एशियाई देशों के मुकाबले भारतीय रुपया बेहतर स्थिति में है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 September 2022

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात में वंदे भारत एक्सप्रेस को दिखाई हरी झंडी

  अहमदाबाद मेट्रो परियोजना के पहले चरण का उद्घाटन    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज गुजरात में गांधीनगर रेलवे स्टेशन से नई और आधुनिक वंदेभारत एक्सप्रेस रेलगाड़ी को रवाना किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महत्‍वाकांक्षी अहमदाबाद मेट्रो परियोजना के पहले चरण का उद्घाटन किया।अहमदाबाद में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि 21वीं सदी के भारत से देश के शहरों को नई गति मिलेगी। उन्होंने कहा कि बदलते समय और मांग के अनुसार शहरों के पुनर्विकास का समय आ गया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पुराने शहरों में सुधार और विस्तार पर ध्यान दिये जाने के साथ-साथ वैश्विक व्यापार की मांग के अनुरूप नए शहरों का निर्माण भी किया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार एक साथ बसे दो शहरों के नेटवर्क के निर्माण पर ध्यान दे रही है।प्रधानमंत्री ने महत्वाकांक्षी आत्मनिर्भर भारत के शहरी विकास के लिए आज के दिन को ऐतिहासिक बताया। गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों के प्रति अपनी सरकार के संकल्‍प को दोहराते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने देश में इलेक्ट्रिक बसों के निर्माण और संचालन के लिए फेम योजना शुरू की है। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत सात हजार  से ज्यादा इलेक्ट्रिक बसों को मंजूरी दी जा चुकी है। केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि देश में आठ सौ दस किलोमीटर मेट्रो रेल नेटवर्क का काम पूरा हो चुका है और 982 किलोमीटर मेट्रो मार्ग के निर्माण का कार्य चल रहा है। केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव, रेल राज्य मंत्री दर्शना जरदोश भी इस अवसर पर मौजूद थे। स्‍वदेश में निर्मित सेमी हाईस्‍पीड एक्‍सप्रेस रेलगाडी गांधीनगर और मुम्‍बई सैन्‍ट्रल के बीच चलेगी। प्रधानमंत्री ने गांधीनगर से कालूपुर रेलवे स्टेशन तक रेल की सवारी की। इसके बाद उन्‍होंने कालूपुर स्टेशन से दूरदर्शन केन्द्र मेट्रो स्टेशन तक मेट्रो रेल में सफर किया। अहमदाबाद मेट्रो परियोजना के पहले चरण में 21 किलोमीटर पूर्व-पश्चिम गलियारा और 19 किलोमीटर उत्‍तर-दक्षिण गलियारा शामिल है, जिसके निर्माण पर करीब 12 हजार करोड़ रुपये की लागत आई है। पूर्व-पश्चिम मेट्रो दो दिन बाद जनता के लिए उपलब्‍ध होगी और उत्‍तर-दक्षिणी मार्ग पर छह अक्‍तूबर से लोग मेट्रो की सवारी कर सकेंगे। प्रधानमंत्री शाम को अम्बाजी में सात हजार दो सौ करोड़ रुपये से अधिक लागत की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करेंगे। वे अम्बा जी मंदिर में दर्शन और पूजा करेंगे और गब्बर तीर्थ में महाआरती में शामिल होंगे। प्रधानमंत्री अम्‍बाजी से मुख्‍यमंत्री गौवंश पोषण योजना का भी शुभारंभ करेंगे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 September 2022

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए मल्लिकार्जुन खड़गे ने भरा नामांकन

  दिग्विजय सिंह ने नही भरा नामांकन , दूसरे दलित अध्यक्ष होंगे खड़गे  कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद को लेकर लगातार समीकरण बदल रहे हैं।  कभी राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत तो कभी मध्यप्रदेश पूर्व सीएम और भोपाल से राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह का नाम सामने आया।  नामांकन करने के लिए भी दिग्विजय सिंह को दिल्ली बुलाया गया।लेकिन अचानक गांधी खेमे के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे का नाम अध्यक्ष पद का आने के बाद सभी ने अपने पैर पीछे खींच लिए।  अब मैदान में शशि थरूर और त्रिपाठी मैदान में हैं।  अब यह स्पष्ट हो गया है कि इस बार गांधी परिवार से कोई भी राष्ट्रीय अध्यक्ष नहीं बनेगा।  वहीं खड़गे का नाम सोनिया गाँधी और प्रियंका गाँधी की अनुशंसा के बाद होना माना जा रहा है। अब यह तय हो गया है। दिग्विजय सिंह ने गुरुवार को अध्यक्ष पद के लिए नामांकन पत्र लिया था।दिग्विजय सिंह के अध्यक्ष का नामांकन पत्र जमा करने के लिए प्रदेश कांग्रेस ने विधायकों सहित कुछ नेताओं को दिल्ली बुलाया गया था। लेकिन  कांग्रेस अध्यक्ष के लिए मल्लिकार्जुन खड़गे का नाम आते ही मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह दौड़ से बाहर हो गए। उन्होंने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ को सुबह साढ़े आठ बजे फोन कर बताया कि वे अब नामांकन पत्र दाखिल नहीं करेंगे। मैं उनका साथ दूंगा। प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ ने कहा कि दिग्विजय सिंह ने मुझे बताया कि खड़गे नामांकन भर रहे हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेता है और राज्यसभा में प्रतिपक्ष के नेता हैं इसलिए मैं नामांकन पत्र नहीं भरूंगा। प्रदेश से विधायकों को प्रस्तावक के लिए भेजने पर कहा कि मुझसे उन्होंने प्रस्तावक भेजने के लिए कहा था तो मैंने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष डा.गोविन्द सिंह को कह दिया था। उन्होंने नाम चुनकर सूची दी थी और वे सभी पहुंच गए थे। खड़गे का नाम अचानक नहीं आया।  आपको बता दें अगर खड़गे कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनते हैं तो वे कांग्रेस पार्टी के दूसरे दलित अध्यक्ष होंगे।  इससे पहले जगजीवन राम कांग्रेस के अध्यक्ष थे। वे 1971 -72 में अध्यक्ष रहे है। मल्लिकार्जुन खड़गे की बात करें तो उनका राजनीतिक जीवन का अच्छा ख़ासा अनुभव है।  वे 9 बार विधायक और दो बार सांसद रह चुके हैं। खड़गे बीजेपी की लहर के बावजूद कर्नाटक से जीते थे।  हालाँकि इस बार वे राज्यसभा सांसद हैं। और उनको अच्छा अनुभव है।  खड़गे के अध्यक्ष बनने पर कांग्रेस को दलित वोट का भी फायदा मिल सकता है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 September 2022

पीएम मोदी पहुंचे गुजरात दौरे पर

   36वें राष्ट्रीय खेलों का उद्घाटन करेंगे   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज दो दिवसीय दौरे पर गुजरात गए हुए  हैं। नरेंद्र मोदी  सूरत, भावनगर, अहमदाबाद और अंबाजी में लगभग 29,000 करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। गुजरात में पहली बार राष्ट्रीय खेलों का आयोजन हो रहा है। देश भर के लगभग 15,000 खिलाड़ी, कोच और अधिकारी 36 खेलों में भाग लेंगे, और यह अब तक का सबसे बड़ा राष्ट्रीय खेल आयोजन होगा। पीएम मोदी थोड़ी देर में देश के सबसे बड़े स्टेडियम, अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में 36वें राष्ट्रीय खेलों का उद्घाटन करेंगे।  इस मौके पर केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर और गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल भी मौजूद रहेंगे। 29 सितंबर से 12 अक्टूबर 2022 तक नेशनल गेम्स आयोजित किया जाएगा।     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 September 2022

आर वेंकटरमणि को नया अटॉर्नी जनरल नियुक्त किया गया

आर वेंकटरमणि की यह नियुक्ति तीन साल के लिए की गई है   सीनियर वकील आर वेंकटरमणि को केंद्र सरकार ने  भारत का नया अटॉर्नी जनरल नियुक्त किया है। वर्तमान में भारत के वर्तमान अटर्नी जनरल केके वेणुगोपाल हैं, लेकिन वो पद से हटने की इच्छा जाहिर कर चुके हैं। जिसके बाद सरकार ने नए अटॉर्नी जनरल की नियुक्ति की है।आर वेंकटरमणि की यह नियुक्ति तीन साल के लिए की गई है।  आर. वेंकटरमणि सुप्रीम कोर्ट में वरिष्‍ठ वकील और लॉ कमीशन ऑफ इंडिया के सदस्‍य हैं। वे सुप्रीम कोर्ट में तीन दशक से भी अधिक समय से प्रैक्टिस कर रहे हैं। साथ ही कई मामलों में वे केंद्र सरकार, राज्‍य सरकारों, विश्‍वविद्यालयों और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों का प्रतिनिधित्‍व कर चुके हैं। उन्होंने कानून के कई क्षेत्रों में वकालत किया है, जिनमें संवैधानिक कानून, मध्यस्थता कानून, अप्रत्यक्ष कर कानून, कॉर्पोरेट और प्रतिभूति कानून, पर्यावरण कानून, शिक्षा कानून, भूमि कानून, आपराधिक कानून, मानवाधिकार कानून, उपभोक्ता कानून और सेवा कानून शामिल हैं। श्री वेंकटरमणि कई राज्य सरकारों, विश्वविद्यालयों और केंद्रीय और राज्य के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों की ओर से सर्वोच्च न्यायालय और उच्च न्यायालयों में पेश हुए हैं। 13 अप्रैल 1950 को पांडिचेरी (अब पुडुच्‍चेरी) में जन्‍म हुआ। जुलाई 1977 में तमिलनाडु की बार काउंसिल में एनरोल किया और प्रैक्टिस शुरु की। 1979 में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता पी.पी. राव का चैम्बर जॉइन किया और सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस शुरु की।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 September 2022

गर्भपात कानून को लेकर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी

विवाहित और अविवाहित महिलाओं के बीच भेद करना गलत और असंवैधानिक   देश में गर्भपात कानून और इसको लेकर  सुप्रीम कोर्ट ने अहम टिप्पणी की है । सुप्रीम कोर्ट का कहना है, विवाहित और अविवाहित महिलाओं के बीच भेद करना गलत और असंवैधानिक है। महिलाओं के अधिकारों पर देश की सर्वोच्च अदालत का मानना है कि सभी महिलाओं को सुरक्षित और कानूनी गर्भपात का अधिकार है। किसी महिला को उसकी वैवाहिक स्थिति के कारण अनचाहे गर्भ गिराने के अधिकार से वंचित नहीं किया जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट किया कि सिंगल और अविवाहित महिलाओं को गर्भावस्था के 24 सप्ताह तक मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी एक्ट एंड रूल्स के तहत गर्भपात का अधिकार है। सुनवाई के दौरान जजों ने यह भी कहा कि मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी एक्ट में दुष्कर्म के साथ ही मैरिटल रेप को भी स्पष्ट किया जाना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि कानून स्थिर नहीं हो सकता है। बदलते समय के साथ अपडेट होना जरूरी है। लिव-इन जैसे गैर-पारंपरिक संबंधों को कानून के तहत मान्यता दी जानी चाहिए।  रेप की परिभाषा में मैरिटल रेप को भी शामिल किया जाना चाहिए। मैरिटल रैप अपराध है। शादीशुदा और अविवाहित महिलाओं में इस तरह का भेदभाव गलत है। शादी के बाद यदि महिला की मर्जी के खिलाफ शारीरिक संबंंद बनाया जाता है तो यह भी रेप की श्रेणी आएगा। सुप्रीम कोर्ट के इस टिप्पणी के बाद अब देश में नई बहस छिड़ गई है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 September 2022

PFI के प्रतिबन्ध के बाद राजनीति शुरू हुई , कई पार्टियों का विरोध

  ओवैसी , सपा नेता , लालू यादव सहित कई नेताओं ने ली आपत्ति  पीएफआई को प्रतिबंधित करने के बाद अब कई राजनैतिक पार्टियां इसके विरोध में आ गई हैं। पीएफआई पर बैन का आदेश जारी करने के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक और अधिसूचना जारी की है। इसमें राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को यह अधिकार दिया गया है कि वे पीएफआई और इससे जुड़े लोगों के खिलाफ यूएपीए कानून के तहत कार्रवाई कर सके।केंद्र की मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया को देशभर में प्रतिबंधित कर दिया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा आदेश जारी कर PFI को आतंकी संगठन घोषित कर दिया। PFI के साथ ही इससे जुड़े 8 संगठनों पर भी 5 साल का बैन लगाया गया है। अब पीएफआई के बैन के बाद राजनीती शुरू हो गई है।  AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी समेत कई नेताओं ने इस फैसले पर विरोध जताया है। ओवैसी ने कहा है कि केंद्र के इस कदम का समर्थन नहीं कर सकते। कुछ लोगों की गलती की सजा पूरे संगठन को नहीं दी जा सकती है। यह देश के लिए खतरनाक है। बिहार के पूर्व सीएम और चारा घोटले के आरोपी  लालू यादव ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर भी प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए। पीएफआई की राजनीतिक ब्रांच ने इसे लोकतंत्र की हत्या बताया। विरोध करने वालों में कांग्रेस और सपा नेता भी शामिल हैं। केरल से सांसद कोडिकुन्निल सुरेश ने  पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) पर केंद्र के पांच साल के प्रतिबंध की आलोचना की। उन्होंने हिंदू संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर भी प्रतिबंध लगाने की मांग की। मध्य प्रदेश से कांग्रेस के बड़े नेता कमलनाथ ने कहा कि यदि कुछ गलत किया है तो कार्रवाई होना चाहिए, लेकिन इसके सबूत भी हो। सबूत पुख्ता हो, बनावटी न हो। वही समाजवादी पार्टी के नेता भी इससे पीछे नहीं दिखे। सपा सांसद डा. शफीकुर्रहमान बर्क ने केंद्र की इस कार्रवाई की आलोचना की और कहा कि यह मुस्लिमों का हितैषी संगठन है, इसलिए कार्रवाई की गई है। वहीं पीएफआई पर बैन के बाद राज्य सरकारें भी एक्शन में आ गई हैं। मध्य प्रदेश के इंदौर और उज्जैन में पुलिस कार्रवाई कर रही है। उज्जैन में पीएफआई का ऑफिस सील कर दिया गया है। दिल्ली और उत्तर प्रदेश में भी पीएफआई का खेल पूरी तरह खत्म करने की तैयार हो रही है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 September 2022

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना 3 महीने के लिए बढ़ी

  योजना पर करीब 40,000 करोड़ रुपए खर्च करेगी सरकार  केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) को 3 महीने की अवधि के लिए और बढ़ा दिया है। सरकार अगले 3 महीने में इस योजना पर करीब 40,000 करोड़ रुपए खर्च करेगी। इस योजना पर अब तक सरकार 3.8 लाख करोड़ रुपए खर्च कर चुकी है।PMGKAY योजना के तहत केंद्र सरकार राशन कार्ड धारक के परिवार को मुफ्त राशन प्रदान करती है। PMGKAY योजना के माध्यम से सरकार अब तक 1,003 लाख मीट्रिक टन खाद्यान्न