Since: 23-09-2009

  Latest News :
भारतीयता का मूल हैं हमारे परिवार.   पठानकोट में फिर घुसा पाकिस्तान का ड्रोन.   लुंबिनी यात्रा का उद्देश्य भारत-नेपाल संबंधों को मजूबत करना : प्रधानमंत्री मोदी.   ज्ञानवापी मस्जिद परिसर सर्वे: दूसरे दिन चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था.   डॉ. मानिक साहा ने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली .   राजीव कुमार ने 25वें मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में कार्यभार संभाला.   सुरक्षा करने वालों की सुरक्षा भी जरूरी.   आगामी सप्ताह पूरे प्रदेश में होंगे जन-कल्याण कार्यक्रम, मुख्यमंत्री चौहान ने की समीक्षा.   महिला मोर्चा के राष्ट्रीय प्रशिक्षण वर्ग में भाग लेने भोपाल पहुंचीं स्मृति ईरानी .   सिवनी मॉब लिचिंग मामले की एसआइटी करेगी जांच.   मुख्यमंत्री चौहान ने लगाए नीम और पीपल के पौधे.   गुना में शिकारियों से मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मियों की मौत.   देश को श्रीलंका की राह पर केंद्र सरकार ले जा रही : कांग्रेस.   छत्तीसगढ़ में कानून का राज : कांग्रेस.   आईईडी ब्लास्ट में छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल का जवान घायल.   पैरावट में आग लगने से छात्रा की जलकर मौत.   छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं और 12वीं का परिणाम किया जारी .   हेलिकॉप्टर क्रैश के उच्चस्तरीय जांच के निर्देश.  

देश की खबरे

IIMC Prof. Sanjay Dwivedi

जहां मिलती है सुरक्षा, संरक्षण और आत्मविश्वास #कुटुम्बप्रबोधन  प्रो.संजय द्विवेदी  भारत में ऐसा क्या है जो उसे खास बनाता है? वह कौन सी बात है जिसने सदियों से उसे दुनिया की नजरों में आदर का पात्र बनाया और मूल्यों को सहेजकर रखने के लिए उसे सराहा। निश्चय ही हमारी परिवार व्यवस्था वह मूल तत्व है, जिसने भारत को भारत बनाया। हमारे सारे नायक परिवार की इसी शक्ति को पहचानते हैं। रिश्तों में हमारे प्राण बसते हैं, उनसे ही हम पूर्ण होते हैं। आज कोरोना की महामारी ने जब हमारे सामने गहरे संकट खड़े किए हैं तो हमें सामाजिक और मनोवैज्ञानिक संबल हमारे परिवार ही दे रहे हैं। व्यक्ति कितना भी बड़ा हो जाए उसका गांव, घर, गली, मोहल्ला, रिश्ते-नाते और दोस्त उसकी स्मृतियां का स्थायी संसार बनाते हैं। कहा जाता है जिस समाज स्मृति जितनी सघन होती है, जितनी लंबी होती है, वह उतना ही श्रेष्ठ समाज होता है।     परिवार नाम की संस्था दुनिया के हर समाज में मौजूद हैं। किंतु परिवार जब मूल्यों की स्थापना, बीजारोपण का केंद्र बनता है, तो वह संस्कारशाला हो जाता है। खास हो जाता है। अपने मूल्यों, परंपराओं को निभाकर समूचे समाज को साझेदार मानकर ही भारतीय परिवारों ने अपनी विरासत बनाई है। पारिवारिक मूल्यों को आदर देकर ही श्री राम इस देश के सबसे लाड़ले पुत्र बन जाते हैं। उन्हें यह आदर शायद इसलिए मिल पाया, क्योंकि उन्होंने हर रिश्ते को मान दिया, धैर्य से संबंध निभाए। वे रावण की तरह प्रकांड विद्वान और विविध कलाओं के ज्ञाता होने का दावा नहीं करते, किंतु मूल्याधारित जीवन के नाते वे सबके पूज्य बन जाते हैं, एक परंपरा बनाते हैं। अगर हम अपनी परिवार परंपरा को निभा पाते तो आज के भारत में वृद्धाश्रम न बन रहे होते। पहले बच्चे अनाथ होते थे आज के दौर में माता-पिता भी अनाथ होने लगे हैं। यह बिखरती भारतीयता है, बिखरता मूल्यबोध है। जिसने हमारी आंखों से प्रेम, संवेदना, रिश्तों की महक कम कर भौतिकतावादी मूल्यों को आगे किया है। न बढ़ाएं फासले, रहिए कनेक्टः     आज के भारत की चुनौतियां बहुत अलग हैं। अब भारत के संयुक्त परिवार आर्थिक, सामाजिक कारणों से एकल परिवारों में बदल रहे हैं। एकल परिवार अपने आप में कई संकट लेकर आते हैं। जैसा कि हम देख रहे हैं कि इन दिनों कई दंपती कोरोना से ग्रस्त हैं, तो उनके बच्चे एकांत भोगने के साथ गहरी असुरक्षा के शिकार हैं। इनमें माता या पिता, या दोनों की मृत्यु होने पर अलग तरह के सामाजिक संकट खड़े हो रहे हैं। संयुक्त परिवार हमें इस तरह के संकटों से सुरक्षा देता था और ऐसे संकटों को आसानी से झेल जाता था। बावजूद इसके समय के चक्र को पीछे नहीं घुमाया जा सकता। ऐसे में यह जरूरी है कि हम अपने परिजनों से निरंतर संपर्क में रहें। उनसे आभासी माध्यमों, फोन आदि से संवाद करते रहें, क्योंकि सही मायने में परिवार ही हमारा सुरक्षा कवच है।    आमतौर सोशल मीडिया के आने के बाद हम और ‘अनसोशल’ हो गए हैं। संवाद के बजाए कुछ ट्वीट करके ही बधाई दे देते हैं। होना यह चाहिए कि हम फोन उठाएं और कानोंकान बात करें। उससे जो खुशी और स्पंदन होगा, उसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती। परिजन और मित्र इससे बहुत प्रसन्न अनुभव करेगें और सारा दिन आपको भी सकारात्मकता का अनुभव होगा। संपर्क बनाए रखना और एक-दूसरे के काम आना हमें अतिरिक्त उर्जा से भर देता है। संचार के आधुनिक साधनों ने संपर्क, संवाद बहुत आसान कर दिया है। हम पूरे परिवार की आनलाईन मीटिंग कर सकते हैं, जिसमें दुनिया के किसी भी हिस्से से परिजन हिस्सा ले सकते हैं। दिल में चाह हो तो राहें निकल ही आती हैं। प्राथमिकताए तय करें तो व्यस्तता के बहाने भी कम होते नजर आते हैं। जरूरी है एकजुटता और सकारात्मकताः     सबसे जरूरी है कि हम सकारात्मक रहें और एकजुट रहें। एक-दूसरे के बारे में भ्रम पैदा न होने दें। गलतफहमियां पैदा होने से पहले उनका आमने-सामने बैठकर या फोन पर ही निदान कर लें। क्योंकि दूरियां धीरे-धीरे बढ़ती हैं और एक दिन सब खत्म हो जाता है। खून के रिश्तों का इस तरह बिखरना खतरनाक है क्योंकि रिश्ते टूटने के बाद जुड़ते जरूर हैं, लेकिन उनमें गांठ पड़ जाती है। सामान्य दिनों में तो सारा कुछ ठीक लगता है। आप जीवन की दौड़ में आगे बढ़ते जाते हैं, आर्थिक समृद्धि हासिल करते जाते हैं। लेकिन अपने पीछे छूटते जाते हैं। किसी दिन आप अस्पताल में होते हैं, तो आसपास देखते हैं कि कोई अपना आपकी चिंता करने वाला नहीं है। यह छोटा सा उदाहरण बताता है कि हम कितने कमजोर और अकेले हैं। देखा जाए तो यह एकांत हमने खुद रचा है और इसके जिम्मेदार हम ही हैं। संयुक्त परिवारों की परिपाटी लौटाई नहीं जा सकती, किंतु रिश्ते बचाए और बनाए रखने से हमें पीछे नहीं हटना चाहिए। इसके साथ ही सकारात्मक सोच बहुत जरूरी है। जरा-जरा सी बातों पर धीरज खोना ठीक नहीं है। हमें क्षमा करना  और भूल जाना आना ही चाहिए। तुरंत प्रतिक्रिया कई बार घातक होती है। इसलिए आवश्यक है कि हम धीरज रखें। देश का सबसे बड़ा सांस्कृतिक संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ऐसे ही पारिवारिक मूल्यों की जागृति के कुटुंब प्रबोधन के कार्यक्रम चलाता है। पूर्व आईएएस अधिकारी विवेक अत्रे भी लोगों को पारिवारिक मूल्यों से जुड़े रहने प्रेरित कर रहे हैं। वे साफ कहते हैं ‘भारत में परिवार ही समाज को संभालता है।’ जुड़ने के खोजिए बहानेः   हमें संवाद और एकजुटता के अवसर बनाते रहने चाहिए। बात से बात निकलती है और रिश्तों में जमी बर्फ पिधल जाती है। परिवार के मायने सिर्फ परिवार ही नहीं हैं, रिश्तेदार ही नहीं हैं। वे सब हैं जो हमारी जिंदगी में शामिल हैं। उसमें हमें सुबह अखबार पहुंचाने वाले हाकर से लेकर, दूध लाकर हमें देने वाले, हमारे कपड़े प्रेस करने वाले, हमारे घरों और सोसायटी की सुरक्षा, सफाई करने वाले और हमारी जिंदगी में मदद देने वाला हर व्यक्ति शामिल है। अपने सुख-दुख में इस महापरिवार को शामिल करना जरूरी है। इससे हमारा भावनात्मक आधार मजूबूत होता है और हम कभी भी अपने आपको अकेला महसूस नहीं करते। कोरोना के संकट ने हमें सोचने के लिए आधार दिया है, एक मौका दिया है। हम सबने खुद के जीवन और परिवार में न सही, किंतु पूरे समाज में मृत्यु को निकट से देखा है। आदमी की लाचारगी और बेबसी के ऐसे दिन शायद भी कभी देखे गए हों। इससे सबक लेकर हमें न सिर्फ सकारात्मकता के साथ जीना सीखना है बल्कि लोगों की मदद के लिए हाथ बढ़ाना है। बड़ों का आदर और अपने से छोटों का सम्मान करते हुए सबको भावनात्मक रिश्तों की डोर में बांधना है।  एक दूसरे को प्रोत्साहित करना, घर के कामों में हाथ बांटना, गुस्सा कम करना जरूरी आदतें हैं, जो डालनी होंगीं। एक बेहतर दुनिया रिश्तों में ताजगी, गर्माहट,दिनायतदारी और भावनात्मक संस्पर्श से ही बनती है। क्या हम और आप इसके लिए तैयार हैं?

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 May 2022

chandigarh, Pakistan

  चंडीगढ़। पाकिस्तान ने फिर पठानकोट सेक्टर के रास्ते ड्रोन से घुसपैठ की है। बीएसएफ के जवानों ने रविवार तड़के करीब चार बजे पठानकोट के बमियाल बार्डर पर पाकिस्तान के ड्रोन को देखा। यह ड्रोन पहाड़ीपुर पोस्ट के पास से भारतीय सीमा में घुसा। इस देखते ही बीएसएफ के जवानों ने फायरिंग शुरू कर दी।   करीब दस मिनट की फायरिंग के बाद ड्रोन पाकिस्तान की तरफ लौट गया। बीएसएफ ने इसकी सूचना पंजाब पुलिस को दी। इसके बाद बीएसएफ और पंजाब पुलिस ने करीब छह घंटे तक सीमावर्ती गांवों में सर्च आपरेशन किया, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 May 2022

new delhi, Lumbini Yatra aims , further strengthen ,India-Nepal ties,PM Modi

  नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को अपनी लुंबिनी (नेपाल) यात्रा पर रवाना होने से पहले जारी वक्तव्य में कहा कि पड़ोसी देश के साथ भारत के संबंध अद्वितीय हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी यात्रा का उद्देश्य भारत-नेपाल संबंधों को और मजूबत करना है। प्रधानमंत्री मोदी ने वक्तव्य में कहा, “मैं नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा के निमंत्रण पर 16 मई को लुंबिनी, नेपाल का दौरा करूंगा।” उन्होंने आगे कहा, “मैं बुद्ध जयंती के शुभ अवसर पर मायादेवी मंदिर में पूजा-अर्चना करने के लिए उत्सुक हूं। मैं भगवान बुद्ध के पवित्र जन्म स्थान पर श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए लाखों भारतीयों के नक्शेकदम पर चलने के लिए सम्मानित महसूस कर रहा हूं।” प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले महीने उनकी भारत यात्रा के दौरान सार्थक चर्चा के बाद मैं फिर से प्रधानमंत्री देउबा से मिलने के लिए उत्सुक हूं। हम जलविद्युत, विकास और संपर्क सहित अनेक क्षेत्रों में सहयोग का विस्तार करने के लिए अपनी साझी समझ का निर्माण करना जारी रखेंगे। उन्होंने कहा, “पवित्र मायादेवी मंदिर में जाने के अलावा, मैं लुंबिनी मठ क्षेत्र में इंडिया इंटरनेशनल सेंटर फॉर बौद्ध कल्चर एंड हेरिटेज के "शिलान्यास" समारोह में भी भाग लूंगा। मैं नेपाल सरकार द्वारा आयोजित बुद्ध जयंती समारोहों में भी भाग लूंगा।”   प्रधानमंत्री ने कहा कि नेपाल के साथ हमारे संबंध अद्वितीय हैं। भारत और नेपाल के बीच सांस्कृतिक और लोगों से लोगों के बीच संपर्क हमारे घनिष्ठ संबंधों की स्थायी इमारत है। मेरी यात्रा का उद्देश्य इन समय-सम्मानित संबंधों का जश्न मनाना और उन्हें और गहरा करना है, जो सदियों से पोषित हैं और हमारे अंतर्संबंध के लंबे इतिहास में दर्ज हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 May 2022

varansi,Survey , Gyanvapi Masjid premises, tight security arrangements

  वाराणसी। ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी मामले में न्यायालय के निर्देश पर लगातार दूसरे दिन रविवार को भी कड़ी सुरक्षा के बीच मस्जिद परिसर में सर्वे की कार्यवाही चल रही है। अधिवक्ता कमिश्नर के साथ वादी-प्रतिवादी पक्ष के कुल 52 सदस्यों की मौजूदगी में परिसर के ऊपरी भाग का सर्वे हो रहा है। दोपहर 12 बजे तक मस्जिद परिसर के बरामदे, छत, गुंबद, तालाब और बाहरी दीवारों आदि की वीडियोग्राफी होनी है। मस्जिद परिसर में प्रवेश के पूर्व सभी सदस्यों के मोबाइल फोन जमा करा लिया गया। निर्धारित समय पर सुबह आठ बजे सभी पक्ष के लोग चौक थाने से ज्ञानवापी मस्जिद में श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नम्बर चार के रास्ते गये। पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने मौके पर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि इंटेलीजेंस की रिपोर्ट के बाद यहां की सुरक्षा व्यवस्था और बढ़ाई गई है। सर्वे के पहले दिन परिसर के बाहर 10 लेयर की सिक्योरिटी थी, जिसे 12 लेयर की कर दी गई है। इन बातों का विशेष ध्यान दिया जा रहा है कि विश्वनाथ मंदिर में दर्शन-पूजन करने वाले श्रद्धालुओं को असुविधा न हो। उधर, सर्वे के दौरान तहखाने के एक हिस्से की वीडियोग्राफी शनिवार को नहीं हो पाई थी। उसे रविवार को खोला गया तो उसमें मिट्टी भरी मिलने की जानकारी सामने आई है। जिस पर वादी पक्ष ने आपत्ति दर्ज कराई। सर्वे के पहले दिन की ही तरह रविवार को भी ज्ञानवापी मस्जिद से लगभग एक किलोमीटर की दूरी तक मार्ग प्रतिबंधित है। काशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नंबर चार के दोनों तरफ करीब 500 मीटर पहले ही बैरिकेडिंग लगी हुई है। किसी भी वाहन को गोदौलिया- मैदागिन मार्ग पर नहीं जाने दिया जा रहा है। दर्शनार्थियों को गलियों के रास्ते काशी विश्वनाथ मंदिर में प्रवेश कराया जा रहा है। ज्ञानवापी के एक किलोमीटर तक जगह-जगह पुलिस और पीएसी के जवान मुस्तैद है। -17 मई को अदालत में पेश होगी रिपोर्ट अदालत ने कमीशन की कार्यवाही की रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए 17 मई की तिथि निर्धारित की है। माना जा रहा है कि रविवार को सर्वे के बाद आगे की रणनीति तैयार हो सकती है। अगर कमीशन की कार्यवाही पूरी हो जाएगी तो 17 मई को विशेष अधिवक्ता आयुक्त विशाल सिंह, अधिवक्ता आयुक्त अजय कुमार मिश्र और सहायक अधिवक्ता आयुक्त अजय प्रताप सिंह संयुक्त रिपोर्ट न्यायालय को सौंपेंगे। यदि टीम को लगता है कि कमीशन के लिए और समय की आवश्यकता है तो वह न्यायालय से अगली तिथि पर रिपोर्ट पेश करने की अनुमति भी मांग सकती है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 May 2022

agartala, Dr. Manik Saha ,takes oath ,Chief Minister of Tripura

  अगरतला। त्रिपुरा भाजपा अध्यक्ष एवं राज्यसभा सदस्य मानिक साहा ने रविवार को राज्य के 11वें मुख्यमंत्री के रूप में पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने यहां राजभवन में आयोजित समारोह में शपथ दिलाई। फिलहाल मानिक साहा ने अकेले शपथ ग्रहण किया है। उनके मंत्रिमंडल का विस्तार कुछ दिन बाद होने के कयास लगाए जा रहे हैं। मंत्रिमंडल में कौन-कौन होगा। यह अभी साफ नहीं है। भाजपा नेता बिप्लब कुमार देब के शनिवार को पद से इस्तीफा देने के बाद राज्य के 11वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने वाले 69 वर्षीय डॉ. मानिक साहा को सर्वसम्मति से विधायक दल की बैठक में नेता चुना गया था। राज्य में अचानक उत्पन्न हुए राजनीतिक उठापटक से जनता आश्चर्यचकित है।   मानिक साहा 2016 में कांग्रेस छोड़ भाजपा में हुए थे शामिल: वर्ष 2016 में कांग्रेस छोड़ने के बाद मानिक साहा भाजपा में शामिल हो गए थे। 2020 में उन्हें पार्टी का प्रमुख बनाया गया। इस साल मार्च में उन्हें राज्यसभा भेजा गया। वर्ष 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री बदलना किसी के गले नहीं उतर रहा है। राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को अपना इस्तीफा सौंपने के बाद बिप्लब देब ने कहा कि उन्होंने पूरे दिल से राज्य के लोगों की सेवा की है। देब ने राज्य के पहले भाजपा मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। भाकपा के गढ़ त्रिपुरा में 2018 में भाजपा की जीत में उनका अहम योगदान माना जा रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 May 2022

new delhi, Rajiv Kumar, takes charge ,Chief Election Commissioner

  नई दिल्ली। राजीव कुमार ने रविवार को दिल्ली के निर्वाचन सदन में देश के 25वें मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) के रूप में कार्यभार संभाल लिया। उन्होंने 14 मई को सेवानिवृत्त हुए सुशील चन्द्रा का स्थान लिया है। केन्द्रीय कानून मंत्रालय की 12 मई की अधिसूचना में राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने संविधान के अनुच्छेद 324 के खंड (2) के अनुसरण में राजीव कुमार को 15 मई, 2022 से मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में नियुक्त किया था।   राजीव कुमार ने 1 सितंबर 2020 को चुनाव आयोग में चुनाव आयुक्त के रूप में कार्यभार संभाला था। चुनाव आयोग में कार्यभार संभालने से पहले राजीव कुमार लोक उद्यम चयन बोर्ड के अध्यक्ष रह चुके हैं। राजीव कुमार 1984 बैच के बिहार/झारखंड कैडर की भारतीय प्रशासनिक सेवा के एक अधिकारी हैं। फरवरी 2020 में वह प्रशासनिक सेवा से सेवानिवृत्त हुए थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 May 2022

kolkata, ED raids , premises of Bangladeshi businessman

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में अवैध तरीके से रह रहे एक बांग्लादेशी कारोबारी सहित चार लोगों के ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को छापेमारी की है। छापेमारी के दौरान संबंधित लोग अपने घरों से फरार हो गए। ईडी अधिकारियों ने मौके से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किये हैं। जिसमें एक महत्वपूर्ण डायरी भी बरामद होने की खबर है, जिसमें रुपये के लेनदेन के बारे में जिक्र है। ईडी को सुकुमार मिर्धा नामक कारोबारी के पश्चिम बंगाल में बैठकर बड़े पैमाने पर हवाला कारोबार करने की जानकारी मिली थी। ईडी को पता चला है कि 10 करोड़ रुपये को विदेशी खाते के जरिए ट्रांसफर किया गया है। केंद्रीय एजेंसी के सूत्रों ने बताया है कि शुक्रवार सुबह 7 बजे ईडी अधिकारियों की चार अलग-अलग टीमों ने अलग-अलग जगहों पर छापेमारी की है। एक टीम ने सबसे पहले उत्तर 24 परगना के अशोक नगर में स्थित सुकुमार के बहुमंजिला मकान पर छापा मारकर तलाशी अभियान चलाया है। उसके बाद दमदम में सुकुमार के कारोबार सहयोगी प्रशांत हलदर के घर, दक्षिण 24 परगना बे प्रणव हालदार और कोलकाता के ईएम बायपास के पास स्वपन मिश्रा के घर भी ईडी ने छापेमारी की है। यह चारों सुकुमार मिर्धा के करीबी बताए जा रहे हैं और मछली का कारोबार करते हैं। यह चारों लोग उत्तर 24 परगना में रहने वाले तृणमूल कांग्रेस के एक मंत्री के बेहद करीबी होने के साथ कोलकाता में भी कई पार्षदों के संपर्क में रहे हैं। माना जा रहा है कि मछली के कारोबार के बहाने करोड़ों रुपये का लेनदेन हवाला के जरिए होता है। बताया गया है कि छापेमारी के दौरान चारों कारोबारी अपने घर से फरार हो गए हैं लेकिन ईडी अधिकारियों ने मौके से कई सारे महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद हुए हैं। एक डायरी मिली है जिसमें रुपये के लेनदेन के बारे में जिक्र किया गया है। इससे उन लोगों के बारे में जानकारी मिल सकेगी, जो हवाला कारोबार के जरिए वित्तीय लेनदेन कर रहे थे। खबर लिखे जाने तक तलाशी अभियान चल रहा था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 May 2022

badgam, Kashmiri Pandit, Rahul Bhatt , terrorists

बडगाम। बडगाम जिले के चडूरा इलाके में गुरुवार देर शाम आतंकियों ने तहसील कार्यालय में घुसकर जिस कश्मीरी पंडित कर्मचारी राहुल भट्ट की हत्या कर दी थी, शुक्रवार सुबह बनतलाब जम्मू में उसका अंतिम संस्कार किया गया गया। इस मौके पर जम्मू के डीपीपी मुकेश सिंह, डिविजनल कमिश्नर रमेश कुमार तथा डिप्टी कमिश्नर अवनी लवासा सहित भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैना, पूर्व मुख्यमंत्री कविंद्र गुप्ता और भारी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद रहे। गुरुवार देर शाम दो आतंकियों ने अचानक तहसील कार्यालय में घुसकर वहां काम कर रहे राहुल भट्ट पर अंधाधुंध गोलियां बरसानी शुरू कर दी। वारदात के बाद मची अफरातफरी में आतंकी मौके से फरार हो गये। गंभीर रूप से घायल राहुल को तुरंत उनके सहयोगियों ने महाराजा हरि सिंह अस्पताल पहुंचाया, जहां उपचार के दौरान राहुल भट्ट ने दम तोड़ दिया। घटना के बाद सभी विस्थापित कॉलोनियों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। बडगाम के शेखपोरा के साथ ही अनंतनाग और उत्तरी कश्मीर में रह रहे कर्मचारियों की कॉलोनी के बाहर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। इन इलाकों में गश्त भी बढ़ा दी गई है। वहीं, कश्मीर घाटी में कश्मीरी पंडितों की हो रही निर्मम हत्या को लेकर जम्मू के लोगों में काफी रोष है। सामाजिक व राजनीतिक संगठन सहित आम जनता भी सड़कों पर निकल कर पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन कर पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी कर रोष जता रहे हैं। ज्ञात रहे कि राहुल भट्ट 09 सितंबर 2020 को तहसील कार्यालय में क्लर्क के तौर पर नियुक्त हुए थे। वे शेखपोरा विस्थापित कॉलोनी में अपने परिवार के साथ रह रहे थे। राहुल भट्ट मूल रूप से बडगाम जिले के वीरवाह इलाके के संग्रामपोरा के रहने वाले थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 May 2022

pulwama, Police constable martyred , terrorist attack

  पुलवामा। पुलवामा जिले के गुडारू इलाके में शुक्रवार को आतंकियों ने पुलिस कांस्टेबल पर हमला कर दिया। हमले में गंभीर रूप से घायल पुलिस कांस्टेबल ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। हमले के बाद मौके से भागे आतंकियों की धर-पकड़ के लिए इलाके में तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है। शुक्रवार को गुडारू इलाके में कांस्टेबल रियाज अहमद अपने घर के बाहर खड़ा था। इस दौरान आतंकी अचानक आए और रियाज पर गोलीबारी शुरू कर दी। गोली लगते ही पुलिस कांस्टेबल जमीन पर गिर पड़ा और आतंकी उसे मरा समझ कर मौके से फरार हो गए। लोगों की मदद से रियाज को तुरंत जिला अस्पताल पहुंचाया गया। डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद उसकी गंभीर हालत को देखते हुए उसे तुरंत श्रीनगर के सैन्य अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। श्रीनगर अस्पताल में इलाज के दौरान रियाज ने दम तोड़ दिया।   वहीं, हमले के तुरंत बाद एसओजी के जवान सेना व सीआरपीएफ के संयुक्त दल के साथ गुडारू इलाके में पहुंचे और आतंकियों की धर-पकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 May 2022

new delhi, Gyanvapi Masjid case ,reached Supreme Court

नई दिल्ली। वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। आज वरिष्ठ वकील हुफेजा अहमदी ने इस मामले को चीफ जस्टिस एनवी रमना की अध्यक्षता वाली बेंच के समक्ष मेंशन करते हुए ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे के आदेश पर रोक लगाने की मांग की। इस पर चीफ जस्टिस ने कहा कि उन्हें इस मामले के बारे में कुछ भी नहीं पता है। जब वे सभी दस्तावेज देखेंगे तो उस पर फैसला करेंगे। हुफेजी ने कहा कि वाराणसी का ज्ञानवापी मस्जिद प्लेसेज ऑफ वर्शिप एक्ट के तहत आता है। लेकिन वाराणसी की निचली अदालत ने इस कानून का उल्लंघन करते हुए ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का आदेश दिया है। बता दें कि वाराणसी की निचली अदालत ने ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का आदेश दिया था। लेकिन ये सर्वे मस्जिद कमेटी ने नहीं होने दिया था। दरअसल, पांच हिन्दू महिलाओं ने ज्ञानवापी मस्जिद के पश्चिमी दीवार के पीछे पूजा करने की मांग की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 May 2022

ranchi, Relief to Rahul Gandhi , Jharkhand High Court

रांची। झारखंड हाई कोर्ट से गुरुवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी को बड़ी राहत मिली है। हाई कोर्ट ने राहुल गांधी की ओर से दायर क्वैशिंग याचिका पर सुनवाई करते हुए उनके खिलाफ किसी भी तरह की पीड़क़ कार्रवाई पर रोक लगाने का आदेश दिया है। इसके साथ अदालत ने निचली अदालत की कार्रवाई पर भी रोक लगा दी है और याचिककर्ता को नोटिस जारी किया है। हाई कोर्ट ने इस मामले में राज्य सरकार को भी जवाब दाखिल करने के निर्देश दिया है। अब राहुल गांधी से जुड़े मामले की अगली सुनवाई 26 सितंबर को होगी। राहुल गांधी की ओर से हाई कोर्ट के अधिवक्ता पीयूष चित्रेश ने जस्टिस संजय द्विवेदी के कोर्ट में पक्ष रखा। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को रांची सिविल कोर्ट ने समन जारी किया था। इसके खिलाफ राहुल गांधी की ओर से झारखंड हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की गयी है। राहुल की ओर से दाखिल याचिका में समन के साथ ही मामले को खारिज करने की अपील की गई है। राहुल गांधी को “सभी मोदी चोर वाले” बयान पर निचली अदालत ने समन जारी किया था। समन में राहुल गांधी को अदालत में हाजिर होने का आदेश कोर्ट ने दिया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 May 2022

new delhi, Prime Minister, got emotional

  नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुरुवार को सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों में से एक की बेटी से बात करते हुए भावुक हो गए और उनका गला भर गया। एक संक्षिप्त विराम के बाद उन्होंने कहा, “बेटी आपकी भावनाएं आपकी ताकत हैं।” प्रधानमंत्री मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भरूच में आयोजित 'उत्कर्ष समारोह' में गुजरात सरकार की विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से संवाद किया। इस दौरान एक नेत्रहीन लाभार्थी अयूब पटेल से बातचीत करते हुए प्रधानमंत्री ने उनकी बेटियों की शिक्षा के बारे में जानकारी ली। प्रधानमंत्री मोदी उनकी बड़ी बेटी आल्या के डॉक्टर बनने के सपने के बारे में सुनकर भावुक हो गए। बेटियों के सपनों को पूरा करने के लिए किसी भी प्रकार की मदद का आश्वासन देते हुए उन्होंने कहा, “बेटियों का सपना पूरा करना और कोई भी कठिनाई होने पर मुझे बताना।”     वृद्ध सहाय योजना के लाभार्थी अयूब की बेटी आल्या ने कहा कि वह पिता के बीमारी को देखकर डॉक्टर बनना चाहती है। वह ग्लूकोमा से पीड़ित हैं। इतना कहने के बाद वह भावुक हो गई। यह नजारा देखकर स्वयं प्रधानमंत्री भी कुछ क्षणों के लिए स्तब्ध हो गये। उसके बाद प्रधानमंत्री ने उनसे कहा, “बेटी तुम्हारी संवेदना ही आपकी ताकत है।”   प्रधानमंत्री ने यह भी पूछा कि उन्होंने और उनके परिवार ने ईद कैसे मनाई। उन्होंने लाभार्थी को कोरोना रोधी टीका लगवाने और अपनी बेटियों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए बधाई दी।   प्रधानमंत्री ने एक महिला लाभार्थी से बातचीत की और उसके जीवन के बारे में पूछा और गरिमापूर्ण जीवन जीने के उसके दृढ़ संकल्प की प्रशंसा की। एक युवा विधवा ने अपने बच्चों को एक अच्छा जीवन देने की अपनी यात्रा के बारे में प्रधानमंत्री को बताया। प्रधानमंत्री ने सुझाव दिया कि उन्हें छोटी बचत में शामिल होना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने अधिकारियों को उनकी मदद करने का निर्देश दिया।   कार्यक्रम के दौरान क्षेत्र की महिलाओं ने प्रधानमंत्री को एक विशाल राखी भेंट कर उनके स्वास्थ्य और लंबे जीवन की कामना की और देश में महिलाओं की गरिमा और जीवन को आसान बनाने के लिए उनके द्वारा किए गए सभी कार्यों के लिए उन्हें धन्यवाद दिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 May 2022

ranchi, Jharkhand Mines Secretary ,Pooja Singhal Suspended

  रांची। झारखंड की खान सचिव पूजा सिंघल को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इस बाबत कार्मिक विभाग ने गुरुवार को नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। पूजा सिंघल 2000 बैच की भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी हैं। पूजा सिंघल उद्योग विभाग की सचिव के पद पर तैनात थीं। इसके अलावा उनके पास खान एवं भूतत्व विभाग सचिव के साथ झारखंड राज्य खनिज विकास लिमिटेड की प्रबंध निदेशक का अतिरिक्त प्रभार था। कार्मिक विभाग की अधिसूचना के अनुसार निलंबन अवधि में (हिरासत से मुक्त होने के बाद) उनका मुख्यालय कार्मिक, प्रशासनिक सुधार तथा राजभाषा विभाग, रांची होगा। इस दौरान उनको जीवन निर्वहन भत्ता मिलता रहेगा। उल्लेखनीय है कि फिलहाल, पूजा सिंघल ईडी की पांच दिन की रिमांड पर हैं। ईडी के अधिकारी लगातार उनसे पूछताछ कर रहे हैं। इस दौरान उनकी तबीयत भी बिगड़ जा रही है। ईडी ने दो दिनों की लम्बी पूछताछ के बाद बुधवार को गिरफ्तार किया था। उनसे शेल कंपनियों में निवेश, कैश की बरामदगी, मनरेगा घोटाले से संबंधित सवाल किये गये। ईडी के अधिकारियों के कई सवालों का पूजा सिंघल जवाब नहीं दे पायीं। पूजा के करीबियों के खिलाफ भी ईडी लगातार छापेमारी कर रही है। एक दिन पूर्व कोलकाता में उनके करीबी अभिजीत सेन के ठिकानों पर छापेमारी हुई थी। गुरुवार सुबह से ईडी कारोबारी सरावगी बिल्डर्स के ठिकानों पर रांची में छापेमारी चल रही है। बताया जा रहा है कि पूजा सिंघल के सीए सुमन सिंह से मिले इनपुट के आधार पर छापेमारी की जा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 May 2022

varansi,Court

वाराणसी। ज्ञानवापी परिसर के सर्वे मामले में गुरूवार को सिविल जज (सीनियर डिवीजन) रवि कुमार दिवाकर की अदालत ने फैसला सुना दिया । न्यायालय ने कहा है कि सर्वे कमिश्नर अधिवक्ता अजय मिश्र नहीं हटाए जाएंगे। न्यायालय ने दो और विशेष और सहायक कमिश्नर नियुक्त किए हैं। न्यायालय ने आदेश दिया है कि 17 मई से पहले सर्वे किया जायेगा। न्यायालय ने कहा है कि 17 मई से पहले कार्रवाई को पुख्ता करें। कमीशन की कार्रवाई में बाधा नहीं आनी चाहिए। न्यायालय ने 17 मई को सर्वे रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए हैं। सर्वे कार्यवाही जिला प्रशासन के सहयोग से होगी। सुबह नौ से दोपहर 12 बजे तक सर्वे किया जाएगा। बाधा उत्पन्न करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। न्यायालय से नियुक्त विशेष कोर्ट कमिश्नर विशाल कुमार सिंह और सहायक कोर्ट कमिश्नर अजय सिंह है। अदालत ने अंजुमन इंतजामिया कमेटी की एडवोकेट कमिश्वर बदलने की मांग भी खारिज कर दी । स्पष्ट किया गया कि अजय कुमार मिश्रा एडवोकेट कमिश्नर बने रहेंगे। उन्हें 17 मई तक न्यायालय में पूरी कार्यवाही की रिपोर्ट पेश करनी होगी। कमीशन कार्यवाही के स्थल पर वादी, प्रतिवादी, अधिवक्तागण, एडवोकेट कमिश्नर, उनके सहायक व कमीशन कार्रवाई से संबंधित व्यक्तियों को छोड़ कर अन्य कोई बाहरी व्यक्ति नहीं शामिल हो सकेगा। अदालत ने महत्वपूर्ण टिप्पणी करते हुए कहा कि यह बात समझ से परे है कि यह देखने में आता है कि जिला प्रशासन के अधिकारी अपने अहंकार के कारण न्यायालय के आदेश का अनुपालन कराना उचित नहीं समझते हैं। माननीय उच्च न्यायालय द्वारा निर्देश का पालन भी अधिकारी नहीं करते हैं। न्यायालय ने पूरी कार्रवाई के लिए डीजीपी और प्रदेश के चीफ सेकेट्री को निगरानी करने के लिए आदेशित किया है। फैसले के पूर्व न्यायालय में दोपहर से ही गहमागहमी रही। अदालत के बाहर सुरक्षा का व्यापक प्रबंध किया गया था। अदालत का फैसला आते ही अधिवक्ताओं के एक समूह ने हर—हर महादेव का नारा लगा खुशी जताई। वहीं, वादी पक्ष के अधिवक्ताओं ने भी खुशी जता एक दूसरे को मिठाई भी खिलाई। इसके पहले बीते बुधवार को कोर्ट कमिश्नर बदलने की दाखिल याचिका पर फिर सुनवाई हुई। न्यायालय में वादी और प्रतिवादी पक्ष के अधिवक्ताओं ने अपनी दलीलें पेश की। सुनवाई पुरी होने के बाद न्यायालय ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। गौरतलब हो कि प्रतिवादी पक्ष अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी के अधिवक्ताओं ने न्यायालय से सर्वे के लिए नियुक्त एडवोकेट कमिश्नर अजय कुमार मिश्र पर आपत्ति जताते हुए 7 मई को अदालत में प्रार्थना पत्र दिया था। प्रतिवादी पक्ष के अधिवक्ताओं का कहना है कि एडवोकेट कमिश्नर सर्वे का काम निष्पक्ष तरीके से नहीं कर रहे हैं, बल्कि वह पार्टी की तरह काम कर रहे हैं। इसलिए अदालत कोई और कमिश्नर नियुक्त करे। प्रतिवादी पक्ष के याचिका पर अदालत ने वादी और एडवोकेट कमिश्नर को उनका पक्ष दाखिल करने के लिए कहा था। दिल्ली निवासी राखी सिंह सहित पांच महिलाओं ने 18 अगस्त 2021 को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर स्थित शृंगार गौरी में नियमित दर्शन पूजन को लेकर न्यायालय में याचिका दाखिल किया था। सिविल जज सीनियर डिवीजन रवि कुमार दिवाकर की अदालत में याचिका दायर कर महिलाओं ने काशी विश्वनाथ धाम-ज्ञानवापी परिसर स्थित शृंगार गौरी और अन्य विग्रहों को 1991 के पूर्व स्थिति की तरह नियमित दर्शन-पूजन की मांग की है। —पूरा घटना क्रम अदालत के आदेश पर नियुक्त एडवोकेट कमिश्नर अजय कुमार मिश्र ने वादी और प्रतिवादी दोनों पक्षों की मौजूदगी में 6 मई को ज्ञानवापी परिसर का सर्वे कराना शुरू किया। शुरूआत में शृंगार गौरी के विग्रह और दीवारों की वीडियोग्राफी ही हो पाई। जुमा का दिन होने के कारण बड़ी संख्या में मुसलमान ज्ञानवापी मस्जिद में नमाज पढ़ने आये और सर्वे को लेकर धार्मिक नारेबाजी,बवाल और हंगामा किया था। प्रतिवादी पक्ष के अधिवक्ताओं ने भी सर्वे कार्य में बाधा पहुंचाते हुए आरोप लगाया था कि एडवोकेट कमिश्नर वादी पक्ष की तरह पार्टी बनकर कार्य कर रहे हैं । दूसरे दिन 7 मई काे प्रतिवादी पक्ष के अधिवक्ताओं ने कोर्ट कमिश्नर को हटाने के लिए कोर्ट में प्रार्थना पत्र दाखिल किया। अपरान्ह में मस्जिद में सर्वे का काम दोबारा शुरू हुआ। वादी पक्ष ने आरोप लगाया कि 500 से ज्यादा मुस्लिम मस्जिद के अंदर हैं और सर्वे के लिए रोक दिया। आरोप लगाया कि इस मामले में प्रशासन ने कोई सहयोग नहीं दिया। फिर 9 मई को अदालत में सुनवाई के दौरान वादी पक्ष ने कहा कि एडवोकेट कमिश्नर अपना काम सही से कर रहे हैं। सर्वे में अड़ंगा डालने के लिए उन पर बेबुनियाद आरोप लगाए जा रहे हैं। ज्ञानवापी के अंदर वीडियोग्राफी और सत्यापन की अनुमति दे दी जाए। 10 मई को अदालत में दोनों पक्षों के वकीलों के बीच डेढ़ घंटे तक बहस हुई थी। इस दौरान अधिवक्ताओं ने एडवोकेट कमिश्नर के बदले जाने और ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे पर दलील पेश की। प्रतिवादी पक्ष अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी ने तैयारी के साथ कुछ और तथ्य देने के लिए 11 मई तक का समय मांगा था। इस पर कोर्ट ने सुनवाई के लिए 12 मई की तारीख तय कर दी। साथ ही कहा कि जरूरत पड़ने पर जज स्वयं मौके पर जाएंगे। —प्रतिवादी पक्ष फैसले से संतुष्ट नही न्यायालय के फैसले से प्रतिवादी पक्ष अंजुमन इंतजामिया मसाजिद के अधिवक्ता संतुष्ट नहीं दिखे। माना जा रहा है कि प्रतिवादी पक्ष अब अदालत के फैसले के खिलाफ फिर अपील कर सकता है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 May 2022

lucknow,Election program ,11 members , Rajya Sabha continues

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कोटे के 11 राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल चार जुलाई को समाप्त हो रहा है। निर्वाचन आयोग ने उनके द्विवार्षिक निर्वाचन के लिए कार्यक्रम जारी कर दिया है। 24 मई से नामांकन प्रक्रिया शुरू होगी। नामांकन की अंतिम तिथि 31 मई है और 10 जून को मतदान एवं परिणाम आएगा। उप्र के अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी चन्द्रशेखर ने बताया कि उत्तर प्रदेश विधान सभा के निर्वाचित सदस्यों द्वारा राज्य सभा के निर्वाचित 11 सदस्यों का कार्यकाल चार जुलाई को समाप्त हो रहा है। भारत निर्वाचन आयोग ने रिक्त होने वाली सीटों के लिए द्विवार्षिक निर्वाचन हेतु कार्यक्रम निर्धारित कर दिया गया है। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 24 मई को नाम निर्देशन की अधिसूचना जारी की जाएगी। 31 मई को नाम निर्देशन हेतु अंतिम तिथि तय की गयी है। एक जून को नाम निर्देशनों की जांच और तीन जून को नाम वापसी के लिए अंतिम तिथि निर्धारित की गई है। उन्होंने बताया कि 10 जून को सुबह नौ बजे से अपराह्न चार बजे तक मतदान होगा। 10 जून, को ही शाम पांच बजे से मतगणना होगी। 13 जून से पूर्व निर्वाचन सम्पन्न करा लिया जायेगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 May 2022

new delhi,Rajeev Kumar , next Chief ,Election Commissioner

नई दिल्ली। चुनाव आयुक्त राजीव कुमार अगले मुख्य चुनाव आयुक्त होंगे। वह 14 मई को सेवानिवृत्त होने जा रहे सुशील चन्द्रा का स्थान लेंगे। राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने उनके नाम को मंजूरी दे दी है। केन्द्रीय कानून मंत्री किरण रिजिजू ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। उन्होंने राजीव कुमार को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने बताया कि राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने संविधान के अनुच्छेद 324 के खंड (2) के अनुसरण में राजीव कुमार को 15 मई, 2022 से मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में नियुक्त किया है।   राजीव कुमार ने 1 सितंबर 2020 को चुनाव आयोग में चुनाव आयुक्त के रूप में कार्यभार संभाला था। चुनाव आयोग में कार्यभार संभालने से पहले राजीव कुमार लोक उद्यम चयन बोर्ड के अध्यक्ष रह चुके हैं। राजीव कुमार 1984 बैच के बिहार/झारखंड कैडर की भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी हैं। फरवरी 2020 में वह प्रशासनिक सेवा से सेवानिवृत्त हुए थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 May 2022

visakhapatnam, Cyclone

विशाखापट्टनम। बंगाल की खाड़ी में उठा तूफान 'असानी' बुधवार को एक भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील होते हुए आंध्र प्रदेश में प्रवेश कर गया। तूफान राज्य के मछलीपट्टनम के निकट और नरसापुर के बीच 50 किलोमीटर अंदर केंद्रीकृत है। ताजा जानकारी मिलने तक तूफान उत्तर ईशान्य दिशा में 6 किलोमीटर की रफ्तार से बड़ रहा है। तूफान के आंध्रप्रदेश के मछलीपट्टनम से काकीनाडा होकर विशाखापट्टनम समुद्र में कमजोर होकर ओडिसा और बंगाल की तरफ दिशा बदलने का अनुमान है। मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि राज्य में दोपहर को नरसापुरम, पश्चिम गोदावरी और काकीनाडा में 85 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं और भारी बारिश हुई। इधर, आंध्र प्रदेश में 'असानी' चक्रवात को लेकर रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। प्रदेश के काकीनाडा में असानी चक्रवात के कारण तेज हवाएं चल रही हैं। समुद्र में ऊंची लहरें उठ रही हैं। प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में सुबह से ही बारिश हो रही है। मुख्यमंत्री ने आठ जिले के अधिकारियों को सतर्क रहने के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने अपनी समीक्षा बैठक में जिलाधीश को आदेश दिए हैं कि तटवर्ती इलाकों में चक्रवात तूफान से जनता को सुरक्षित रखने के लिए स्थानीय स्कूल, कॉलेज और कम्युनिटी हॉल का उपयोग किया जाए। साथ ही मुख्यमंत्री पीड़ित परिवारों को दो हजार रुपये के मुआवजा की घोषणा की। सूत्रों के अनुसार केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने भी चक्रवात से निपटने की तैयारियों को लेकर राज्य सरकार से जानकारी ली है। बताया जाता है कि कई स्थानों पर नागरिकों की सहायता के लिए बचाव दल तैनात किए गए हैं। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल ने आंध्र प्रदेश में 12 टीमें तैनात की हैं, जबकि 8 और टीमों को तैयार रहने को कहा गया है। चक्रवात के मद्देनजर मछली पकड़ने से जुड़ी गतिविधियों को फिलहाल के लिए बंद करने की सलाह दी गई है। मौसम विभाग चक्रवात पर करीबी नजर रख रहा है और स्थानीय प्रशासन को लगातार चक्रवात की स्थिति के बारे में सूचित कर रहा है। चक्रवात के मद्देनजर विशाखापट्टनम और विजयवाड़ा के हवाई अड्डे से उड़ान रद्द कर दी गई है। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के प्रवक्ता ने बताया कि कल मौसम पर समीक्षा करने बाद सेवाएं बहाल की जाएंगी। अभी तेज हवा के चलते लैंडिंग काफी मुश्किल हो रही है। इसी क्रम में दक्षिण मध्य रेलवे ने भी विशाखापट्टनम, विजयवाड़ा और चेन्नई के बीच चलने वाली कई रेलगाड़ियों को रद्द कर दिया है। उधर, चक्रवात असानी के प्रभाव के कारण तेलंगाना के कुछ हिस्सों में भी अगले कुछ दिनों में भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार, अगले दो दिनों में तेलंगाना में अलग-अलग स्थानों पर बिजली और तेज हवाओं (30-40 किमी प्रति घंटे) के साथ हल्की बारिश की संभावना है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 May 2022

 Pulwama, Lashkar terrorist , associate arrested

पुलवामा। पुलवामा जिले से सुरक्षाबलों ने बुधवार को लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकी और उसके सहयोगी को गिरफ्तार किया है। सुरक्षाबलों ने दोनों के कब्जे से हथियार और गोला-बारूद बरामद किया है। पुलिस प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि आतंकी की पहचान वकार बशीर भट पुत्र बशीर अहमद भट और उसके सहयोगी की पहचान शहीद इशाक पंडित पुत्र मोहम्मद इशाक पंडित के रूप में हुई है। दोनों करीमाबाद, पुलवामा के निवासी है। उन्होंने बताया कि दोनों को पुलवामा पुलिस ने सेना की 50 आरआर, 02 पैरा और सीआरपीएफ की 183 बटालियन के साथ मिलकर चलाए गए तलाशी अभियान के दौरान गिरफ्तार किया है। . प्रवक्ता ने बताया कि दोनों के पास से आपत्तिजनक सामग्री, हथियार और गोलाबारूद जिसमें एक पिस्तौल, एक मैगजीन शामिल है, बरामद किया है। उन्होंने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ के दौरान यह सामने आया कि दोनों लश्कर-ए-तैयबा के पाकिस्तानी हैंडलर अली साजिद के सीधे संपर्क में थे और उन्हें जिले में आतंकी हमले और बाहरी मजदूरों को निशाना बनाने का काम सौंपा गया था। इस संदर्भ में पुलिस स्टेशन पुलवामा में कानून की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है और जांच शुरू कर दी गई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 May 2022

ranchi, IAS Pooja Singhal, arrested

  रांची। आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल को बुधवार को गिरफ्तार करने के बाद ईडी ने उन्हें कोर्ट में पेश किया। राजधानी स्थित जज कॉलोनी में एडिशनल ज्यूडिशिल कमिश्नर और स्पेशल जज प्रभात कुमार शर्मा के आवासीय कोर्ट में इसपर सुनवाई हुई। सुनवाई के बाद कोर्ट ने उन्हें पांच दिन की रिमांड पर भेज दिया। इस संबंध में पब्लिक प्रॉसिक्यूटर ने कहा कि हमने 12 दिनों के रिमांड की मांग की थी। महिला होने के कारण रात में उन्हें जेल नहीं भेजा जा सकता है, इसलिए उन्हें ईडी के किसी गेस्ट हाउस या किसी अन्य जगह पर डिटेन किया जायेगा। इससे पहले बुधवार को पूजा सिंघल को ईडी ने दूसरे दिन भी पूछताछ के लिए बुलाया था। बुधवार को दोपहर बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। उनसे शेल कंपनियों में निवेश, कैश की बरामदगी और मनरेगा से संबंधित सवाल किये गये थे। ईडी के अधिकारियों के कई सवालों का पूजा सिंघल जवाब नहीं दे पायी थीं। इससे पहले सदर अस्पताल की मेडिकल टीम ने ईडी दफ्तर में ही उनकी मेडिकल जांच की। इधर, पूजा सिंघल के निलंबन की फाइल बढ़ायी जा चुकी है। हालांकि पूजा सिंघल 31 मई तक छुट्टी पर जा चुकी हैं। अभिजीत सेन के कोलकाता के ठिकानों पर छापा इससे पहले ईडी की टीम ने पूजा सिंघल के करीबी और कारोबारी अभिजीत सेन के कोलकाता स्थित ठिकानों पर बुधवार को छापेमारी की। ईडी की टीम ने अभिजीत सेन के दफ्तर और घर समेत चार जगहों पर छापेमारी की है। अभिजीत एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के मालिक हैं और कंपनी का रांची और जोधपुर पार्क में एक शाखा कार्यालय है। सांसद निशिकांत दुबे ने किया ट्वीट गोड्डा सांसद डॉ निशिकांत दुबे ने पूजा सिंघल की गिरफ्तारी को लेकर ट्वीट किया। ट्वीट में उन्होंने लिखा, ''काले धन की मैया पूजा सिंघल आईएएस, झारखंड में मुख्यमंत्री जी ने इन्हें माइनिंग और उद्योग विभाग लूटने के लिए दिया था, को इडी ने आज रांची से गिरफ्तार कर लिया। सूचना के अनुसार इन्होंने पैसे के खेल में राजनेता की भूमिका का भी खुलासा किया है।''

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 May 2022

kolkata, Cyclone Asni, Andhra Pradesh , Odisha most affected

कोलकाता। बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवाती तूफान असनी के प्रभाव से राज्य के विभिन्न तटीय क्षेत्रों में लगातार बारिश का सिलसिला बुधवार को भी जारी रहने वाला है। मौसम विभाग ने बताया है कि फिलहाल यह चक्रवात आंध्र प्रदेश के काकीनाड़ा तटीय क्षेत्र से 180 किलोमीटर दक्षिण दक्षिण पश्चिम और विशाखापट्टनम से 310 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम में स्थित है। इसके अलावा ओडिशा के समुद्र तट पुरी से 660 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम में है। यह आंकड़ा तड़के 2:30 बजे का है। जानकारी के मुताबिक चक्रवात 12 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तटीय क्षेत्रों की ओर आगे बढ़ रहा है। हालांकि पश्चिम बंगाल पर इसका बहुत अधिक प्रभाव पड़ने वाला नहीं है लेकिन तीन दिनों से लगातार जारी बारिश अगले 48 घंटे तक जारी रहेगी। मौसम विभाग का कहना है कि बुधवार रात आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्रों से तूफान टकराएगा, जिसके बाद 60 से 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं वहां चल सकती हैं। इसके प्रभाव से पश्चिम बंगाल के भी तटीय इलाकों जैसे हावड़ा, हुगली, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, पूर्व पश्चिम मेदिनीपुर तथा राजधानी कोलकाता में आंधी-तूफान के साथ भारी बारिश होगी। पश्चिम बंगाल सरकार ने सावधानी बरतते हुए तटीय क्षेत्रों के कच्चे मकानों में रहने वाले लाखों लोगों को राज्य सरकार की ओर से बनाए गए शिविरों में सुरक्षित पहुंचा दिया है। राज्य सचिवालय में कंट्रोल रूम खोला गया है जो मंगलवार से ही काम कर रहा है। इसके अलावा कोलकाता पुलिस और कोलकाता नगर निगम ने भी अलग से कंट्रोल रूम खोला है जो महानगर के निवासियों की मदद के लिए मंगलवार से ही काम कर रहा है। मौसम विभाग ने बताया है कि पिछले 24 घंटे के दौरान राजधानी कोलकाता में 44.8 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है जो फिलहाल जारी रहने वाली है। इसकी वजह से तापमान में गिरावट हुई है। बुधवार को राजधानी कोलकाता में न्यूनतम तापमान 25.1 डिग्री सेल्सियस है जो सामान्य से एक डिग्री कम है जबकि अधिकतम तापमान भी महज 33.3 डिग्री सेल्सियस है जो सामान्य से दो डिग्री कम है। फिलहाल कोलकाता के साथ-साथ हावड़ा, हुगली, पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर, पूर्व बर्दवान तथा उत्तर और दक्षिण 24 परगना में बारिश हो रही है जो दिन भर जारी रहने वाली है। गुरुवार को चक्रवात कमजोर पड़ेगा और शुक्रवार से इसका असर खत्म हो सकता है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 May 2022

ranchi,ED raids, Kolkata hideout, Abhijit Sen

रांची। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को आईएएस पूजा सिंघल के करीबी अभिजीत सेन के कोलकाता के ठिकानों पर छापेमारी की है। अभिजीत सेन एक व्यवसायी है जो मुख्य रूप से निर्माण और इंटीरियर डिजाइनिंग का व्यवसाय करता है। ईडी की पांच सदस्यीय टीम सेन की तलाश कर रही हैं जो छिप गया है। सेन पर आरोप है कि उसने कारोबार के जरिए कई नौकरशाहों के पैसे को अवैध तरीके से सफेद किया गया है। उसका आवास जोधपुर पार्क में स्थित है। ईडी के मुताबिक झारखंड कैडर की आईएएस पूजा सिंघल के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग जांच के सिलसिले में यह छापेमारी की जा रही है। दूसरी ओर ईडी की टीम आईएएस पूजा सिंघल से रांची के एयरपोर्ट स्थित कार्यालय में पूछताछ कर रही है। उल्लेखनीय है कि आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल को ईडी ने सोमवार को समन जारी किया था। समन जारी होने के बाद मंगलवार को वे ईडी कार्यालय में हाजिर हुई थीं। ईडी अधिकारियों ने उनसे उनकी आमदनी के स्रोत, मनरेगा घोटाले में उनकी भूमिका और उनके बैंक खाते में जमा नगद राशि से संबंधित सवाल पूछे थे। कल ईडी अधिकारियों ने सिंघल से 9 घंटे तक पूछताछ की थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 May 2022

new delhi,

नई दिल्ली। एक हिन्दू संगठन से जुड़े सदस्यों ने मंगलवार को कुतुब मीनार परिसर के बाहर पहुंचकर हनुमान चालीसा का पाठ किया। साथ ही मांग की कि स्मारक का नाम बदल कर ‘विष्णु स्तंभ’ किया जाए। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने 44 लोगों को हिरासत में लिया। पुलिस ने एहतियातन यूनाइटेड हिंदू फ्रंट की ओर से की गई घोषणा के चलते इसके अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जय भगवान गोयल को उसके घर में ही नजरबंद कर दिया था। बावजूद इसके यूनाइटेड हिंदू फ्रंट और राष्ट्रीयवादी शिव सेना से जुड़े 50 लोग मंगलवार को कुतुब मीनार के बाहर पहुंचे। यहां उन्होंने हनुमान चालीसा का पाठ किया। दक्षिणी जिले के डीसीपी बेनिता मैरी जैकर ने मंगलवार को कहा कि परिसर के बाहर पाठ करने की अनुमति पुलिस की ओर से नहीं दी गई थी। बावजूद इसके लोगों ने विरोध प्रदर्शन सड़क पर करना शुरू कर दिया था। इस कारण यातायात अवरुद्ध हो गया था और वहां से गुजरने वाले राहगीरों और वाहन चालकों को दिक्कतें हो रही थी। वहां मौजूद 44 लोगों को 65 डीपी एक्ट के तहत हिरासत में लिया गया था। हालांकि बाद में सभी को छोड़ दिया गया। वहीं यूनाइटेड हिंदू फ्रंट के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष भगवान गोयल ने दावा किया कि कुतुब मीनार विष्णु स्तंभ है, जिसे ‘महान राजा विक्रमादित्य’ ने बनावाया था। भगवान गोयल ने बयान जारी कर कहा कि कुतुबुद्दीन ऐबक ने इसका श्रेय लेने का प्रयास किया। परिसर में 27 मंदिर थे, जिन्हें ऐबक ने नष्ट कर दिया था। इसका प्रमाण उपलब्ध है। गोयल का दावा है कि कुतुब मीनार परिसर में हिंदू देवताओं की रखी हुई मूर्तियों को लोग देख सकते हैं। उनका कहना है कि लोगों की मांग है कि कुतुब मीनार को विष्णु स्तंभ नाम दिया जाना चाहिए। विरोध प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने जय श्री राम का जाप और हनुमान चालीसा का पाठ किया। उन्होंने हाथों में तख्तियां भी ले रखी थीं जिन पर कुतुब मीनार का नाम विष्णु स्तंभ किए जाने की मांग की गई थी। गोयल ने दावा किया कि परिसर में मूर्तियां विभिन्न स्थानों पर रखी हुई हैं। उन्होंने मांग की कि उन मूर्तियों को एक ही स्थान पर रखा जाना चाहिए और वहां पूजा करने का अधिकार दिया जाना चाहिए। गोयल ने यह भी कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी. किशन रेड्डी को अपनी मांगों के सिलसिले में एक ज्ञापन दिया है। उन्होंने कहा कि मंगलवार का हनुमान चालीसा पाठ और विरोध कार्यक्रम विभिन्न हिन्दू समूहों की मांग को रेखांकित करने के लिए था। गोयल ने में कहा कि मंगलवार होने के साथ-साथ माता सीता का प्रकट उत्सव एवं महान क्रांतिकारी मंगल पांडे ने आज के ही दिन 1857 को अंग्रेजों के खिलाफ आजादी की लड़ाई का बिगुल फूंका था। उन्होंने कहा कि मुगल शासकों ने हिंदू मंदिरों को ध्वस्त करके मस्जिदों का जो निर्माण करवाया था। आज उन्हें मंदिरों में परिवर्तित करने का समय आ गया है। कुतुब मीनार के निर्माण में 27 मंदिरों के अवशेषों का जीर्णाेद्धार करके वहां पूजा-अर्चना का अधिकार मांग कर कुछ गलत नहीं कर रहे, लेकिन दिल्ली पुलिस ने तानाशाही रवैया अपनाकर घर से निकलने तक नहीं दिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 May 2022

kolkata, Effect of

कोलकाता। बंगाल की खाड़ी में बने भीषण चक्रवाती तूफान असनी के प्रभाव से पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों यानी उत्तर और दक्षिण 24 परगना, पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर, हावड़ा, हुगली तथा राजधानी कोलकाता में लगातार बारिश हो रही है। रविवार से ही शुरू हुई बारिश सोमवार को भी पूरे दिन होती रही। मंगलवार सुबह से ही इन इलाकों में लगातार बारिश हो रही है। प्रभावित इलाकों में 25 से 30 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। मौसम विभाग ने बताया है कि पिछले 24 घंटे के दौरान अकेले राजधानी कोलकाता में 57.8 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है। इसकी वजह से महानगर के बड़ाबाजार, सेंट्रल एवेन्यू, खिदिरपुर, दमदम, कांकुड़गाछी, फूलबागान, जादवपुर, ठनठमुया काली समेत अधिकतर इलाकों में घुटना भर पानी जमा हुआ है। कांकुड़गाछी और दमदम अंडरपास में तो पानी भर जाने की वजह से मिनी बसों और ऑटो को पार होने में दिक्कत हो रही है। सोमवार से ही पूरे शहर में यातायात व्यवस्था चरमराई हुई है और मंगलवार को भी बारिश का सिलसिला जारी रहने से हालात और बिगड़ते जा रहे हैं। वैसे तो चक्रवात से निपटने के लिए कोलकाता नगर निगम समेत कोलकाता पुलिस ने भी कंट्रोल रूम की शुरुआत की है। राज्य सचिवालय के आपदा प्रबंधन विभाग में भी अलग से कंट्रोल रूम खोले गए हैं। महानगर में अभी तक चक्रवात या लगातार बारिश की वजह से जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है। मौसम विभाग ने बताया है कि चक्रवात असनी फिलहाल ओडिशा के पुरी समुद्र तट से 590 किलोमीटर दक्षिण दक्षिण पश्चिम और गोपालपुर से 510 किलोमीटर दक्षिण दक्षिण पश्चिम में स्थित है। इसके अलावा आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम से 350 किलोमीटर और अंडमान निकोबार द्वीप समूह से मात्र 330 किलोमीटर दूर है। धीरे-धीरे यह तटीय क्षेत्रों की ओर बढ़ रहा है। लैंडफाल के बाद इसके साथ चलने वाली हवाओं की गति 65 से 70 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है। इसके अलावा भारी बारिश भी साथ में होती रहेगी जिसके कारण कच्चे मकान, घर, पेड़ आदि गिरने की आशंका बरकरार है। मंगलवार शाम को इसके प्रभाव से सबसे अधिक बारिश इन तीनों राज्यों के साथ-साथ पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों में होने वाली है। पश्चिम बंगाल सरकार ने पहले से ही सतर्कता बरतते हुए तटीय क्षेत्रों से लाखों लोगों को सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचाया है। उधर, मौसम विभाग ने बताया है कि लगातार बारिश की वजह से तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है। मंगलवार को राजधानी कोलकाता में अधिकतम तापमान 32.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जो सामान्य से तीन डिग्री कम है जबकि न्यूनतम तापमान 26.2 डिग्री सेल्सियस है। फिलहाल चक्रवात के प्रभाव से 12 मई तक पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों में बारिश होती रहेगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 May 2022

chandigarh,Ban on arrest ,BJP leader Bagga

  चंडीगढ़। पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट ने दिल्ली भाजपा के नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को राहत प्रदान करते हुए पांच जुलाई तक गिरफ्तारी पर रोक लगा दी । हाई कोर्ट ने पंजाब पुलिस को निर्देश दिए थे कि वह बग्गा के खिलाफ 10 मई तक दंडात्मक कार्रवाई न करे। पंजाब में सत्ता परिवर्तन के बाद दिल्ली के भाजपा नेता तेजिंदर पाल बग्गा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी की थी। इस टिप्पणी के बाद उनके खिलाफ मोहाली में मामला दर्ज किया गया था। छह मई को उस समय हंगामा हुआ जब पंजाब पुलिस बग्गा को गिरफ्तार करने के लिए दिल्ली पहुंच गई और हिरासत में ले लिया। दिल्ली पुलिस द्वारा पंजाब पुलिस के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर लिया गया। पंजाब पुलिस जब बग्गा को लेकर चंडीगढ़ आ रही थी तो रास्ते में कुरुक्षेत्र पुलिस ने उन्हें रोक लिया। इसे लेकर कई घंटे तक हाई वोल्टेज ड्रामा चला और दिल्ली पुलिस ने तेजिंदर पाल को पंजाब पुलिस के कब्जे से छुड़वा लिया। सात मई को मोहाली की अदालत ने बग्गा के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया। मोहाली की अदालत ने 23 मई तक बग्गा को अदालत में पेश करने के निर्देश जारी किए ।   मोहाली की पुलिस इस कार्रवाई के कुछ घंटे बाद पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने मंगलवार तक तेजिंदर पाल की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी। मंगलवार को इस मामले की सुनवाई करते हुए पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट ने बग्गा को 5 जुलाई तक राहत दे दी है।   बग्गा के वकील ने कहा कि मामला सियासी रंजिश का है। अरविंद केजरीवाल के खिलाफ जिस वीडियो को लेकर बग्गा के खिलाफ एफआआर दर्ज की गई है, वह वीडियो तोड़ मरोड़कर पेश किया गया है। वहीं पंजाब के एडवोकेट जनरल ने इस याचिका का विरोध करते हुए इसे रद्द करने की मांग की।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 May 2022

mumbai, World famous ,santoor player, Pandit Shivkumar Sharma ,passes away

  मुंबई। विश्व विख्यात संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा का मंगलवार को मुंबई में हृदय गति रुकने की वजह से निधन हो गया। वह पिछले छह महीने से किडनी संबंधी समस्याओं से पीड़ित थे और डायलिसिस पर थे। पं. शर्मा के सचिव दिनेश ने बताया कि मंगलवार सुबह 8.30 बजे 84 वर्षीय पं. शिव कुमार शर्मा ने अंतिम सांस ली। पंडित शिव कुमार शर्मा का फिल्मी संगीत में अहम योगदान रहा। बॉलीवुड में 'शिव-हरी' नाम से मशहूर शिव कुमार शर्मा और हरि प्रसाद चौरसिया की जोड़ी ने कई सुपरहिट गानों में संगीत दिया था। इसमें से सबसे प्रसिद्ध गाना फिल्म 'चांदनी' का 'मेरे हाथों में नौ-नौ चूड़ियां' रहा, जो दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी पर फिल्माया गया था। पं. शिवकुमार शर्मा का जन्म 13 जनवरी, 1938 को जम्मू में हुआ था। पं. शिवकुमार के पिता पं. उमादत्त शर्मा भी जाने-माने गायक थे, संगीत उनके खून में ही था। पांच साल की उम्र में पं. शर्मा की संगीत शिक्षा शुरू हो गई। पिता ने उन्हें सुर साधना और तबला दोनों की ट्रेनिंग देनी शुरू कर दी थी। 13 साल की उम्र में उन्होंने संतूर सीखना शुरू किया। संतूर वादन के लिए उन्हें अपनी मां से प्रेरणा मिली। अपनी मां के अनुरोध पर, उन्होंने संतूर बजाना शुरू किया। शिव कुमार ने तेरह साल की उम्र से संतूर सीखना शुरू किया और अपनी मां के सपने को साकार किया। उन्होंने पहली बार 1955 में मुंबई में अपने वाद्य कौशल का प्रदर्शन किया था। अपने हुनर के दम पर पंडित शिवकुमार शर्मा को कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सम्मान और पुरस्कार मिल चुके हैं। उन्हें 1985 में बाल्टीमोर, संयुक्त राज्य अमेरिका की मानद नागरिकता भी मिली थी। पंडित शिवकुमार शर्मा को 1986 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, 1991 में पद्म श्री और 2001 में पद्म विभूषण मिला था। उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गहरा शोक व्यक्त किया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 May 2022

ahamdabad,Congress wants one India, not two,Rahul Gandhi

अहमदाबाद। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी मंगलवार को दाहोद में 'आदिवासी सत्याग्रह रैली' में हिस्सा लेने पहुंचे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को दो नहीं एक भारत चाहिए। 2014 में प्रधानमंत्री बनने वाले नरेन्द्र मोदी ने इससे पहले गुजरात में जो काम किया वह आज भारत में हो रहा है। इसे गुजरात मॉडल कहा जाता है। उन्होंने कहा कि आज दो भारत हैं। पहला अमीरों का। इनके पास शक्ति, धन और अहंकार है। दूसरा भारत आम लोगों का है। इस मॉडल को भारत में लागू किया गया है। कांग्रेस दो भारत नहीं चाहती। वह ऐसा भारत चाहती है जिसमें सभी को समान अधिकार हो और सभी को सारी सुविधाएं मिलें। उल्लेखनीय है कि गुजरात में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इस लिहाज से इस रैली को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। कांग्रेस नेता राहुल ने कहा कि अगर गुजरात में कांग्रेस की सरकार बनी तो वह आदिवासियों की मर्जी से चलेगी। सरकार दो-तीन लोगों की नहीं जनता की आवाज से चलेगी। छत्तीसगढ़ की तरह गुजरात में गरीब बच्चों के लिए अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोले जाएंगे। कांग्रेस वादा नहीं करेगी। वह गारंटी देगी। यह कोई जनसभा नहीं है, यह सत्याग्रह की शुरुआत है। उन्होंने कोरोना पर तंज कसते हुए कहा कि प्रधानमंत्री कह रहे थे- ''थाली बजाओ। तीन लाख लोगों की मौत हुई है लेकिन टीवी पर नरेन्द्र मोदी का एक ही चेहरा नजर आता है। सरकार ने सरकारी स्कूलों को बंदकर उनका निजीकरण कर दिया। उन्होंने कहा कि विकास की हर ईंट में आदिवासियों का हाथ है। राहुल के दाहोद पहुंचने पर पूरा सभागार जय आदिवासी, जय जौहर और लड़ेंगे-जितेंगे के नारों से गूंज उठा। पूर्वी गुजरात प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अमित चावड़ा ने भी सभा को संबोधित किया। गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष जगदीश ठाकोर और विपक्ष के नेता सुखराम राठवा और गुजरात प्रभारी रघु शर्मा ने राहुल का स्वागत किया। हर्षदभाई निनामा ने चांदी की परछती पहना कांग्रेस नेता का स्वागत किया। दाहोद की रैली में भाजपा में शामिल होने की अटकलों के बीच पाटीदार नेता और कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल भी मंच पर मौजूद रहे।   राहुल गांधी ने आदिवासी सत्याग्रह की शुरुआत की। सत्याग्रह पत्र जगदीश ठाकोर ने पढ़ा। राहुल ने सत्याग्रह ऐप और सत्याग्रह की वेबसाइट www.adiwasisatyagrah.in को लॉन्च किया। बैठक में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी, तापी और वेदांता परियोजनाओं के खिलाफ आंदोलन करने का फैसला किया गया। कांग्रेस प्रभारी रघु शर्मा ने कहा, "यह रैली सत्याग्रह की शुरुआत नहीं है। कांग्रेस 125 विधानसभा सीटें जीतेगी।" जगदीश ठाकोर ने कहा कि सरकार आदिवासियों को परेशान कर रही है। कांग्रेस आदिवासियों के संघर्ष को अपना बनाने का फैसला किया है। उल्लेखनीय है कि दाहोद स्थित नवजीवन आर्ट्स एंड कॉमर्स कॉलेज के ऐतिहासिक मैदान में राहुल गांधी आदिवासी सत्याग्रह रैली को संबोधित करेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 May 2022

mumbai,NIA raids , 29 places in Mumbai

मुंबई। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के साथियों और कुछ हवाला ऑपरेटरों के 29 ठिकानों पर मुंबई में सोमवार सुबह से छापेमारी कर रही है। पुलिस ने अब तक कुछ लोगों को हिरासत में लिया है जिसमें टाइगर मेमन का दोस्त सुहेल खांडवानी भी है। यह छापेमारी मुंबई के नागपाड़ा, गोरेगांव, मुंब्रा, बोरीवली, सांताक्रूज और ओकरा बाजारों में की गई है। एनआईए का कहना है कि नागपाड़ा, गोरेगांव, बोरीवली, सांताक्रूज, मुंब्रा, भिंडी बाजार समेत अन्य जगहों के कई हवाला ऑपरेटर और ड्रग तस्कर दाऊद से जुड़े थे। एनआईए ने इस संबंध में फरवरी में केस दर्ज कराया था। एनआईए ने आज सुबह से मुंबई के माहिम इलाके में महिला दरगाह के ट्रस्टी सुहेल खांडवानी के चार ठिकानों पर छापेमारी की और उसे हिरासत में लिया है। एनआईए ने छोटा शकील के रिश्तेदार सलीम फ्रूट को ग्रांट रोड इलाके से और अब्दुल कय्यूम को माहिम इलाके से हिरासत में लिया है। साथ ही तलहटी इलाके में 71 वर्षीय व्यक्ति के यहां भी छापेमारी की गई। उसे दाऊद ट्रस्ट नामक संगठन चलाने के लिए जाना जाता है। दाऊद से जुड़े ड्रग तस्कर, शार्पशूटर और हवाला संचालक एनआईए के रडार पर हैं। कौन है सुहेल खांडवानी   एनआईए सुहेल खांडवानी की संपत्तियों पर छापेमारी कर रही है। सुबह से खंडवानी समूह और रियल एस्टेट और डेवलपर कार्यालयों पर छापेमारी की जा रही है। सुहेल माहिम दरगाह के मैनेजिंग ट्रस्टी हैं। सुहेल खांडवानी 1993 से पहले याकूब मेमन के पार्टनर थे। कुछ साल पहले याकूब मेमन को नागपुर में फांसी दी गई थी। वह 1993 के बम विस्फोट मामले के मुख्य आरोपित टाइगर मेमन का भाई था। जांच में नवंबर 1994 में याकूब के साथी सुहेल खांडवानी से 44 लाख रुपये और मई 1995 में गोवा के तत्कालीन उद्योग मंत्री से खंडवानी को मिले 60 लाख रुपये जब्त किए गए थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 May 2022

ranchi,IndiGo stops Divyang , boarding flight,Ranchi Airport

रांची। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सोमवार को कहा कि वह खुद इंडिगो एयरलाइंस की उस घटना की जांच करेंगे, जिसमें शनिवार को रांची हवाई अड्डे पर अपने माता-पिता के साथ एक दिव्यांग बच्चे को विमान में चढ़ने से रोक दिया गया था। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस तरह के व्यवहार के लिए जीरो टॉलरेंस नीति है। जांच के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर शनिवार को रांची-हैदराबाद उड़ान में पहले इंडिगो के कर्मियों ने एक दिव्यांग बच्चे को फ्लाइट पर चढ़ने से इसलिए रोक दिया कि वह घबराया हुआ था। इसके बाद उसके माता-पिता ने भी फ्लाइट में जाने से इनकार कर दिया था। इसे लेकर केंद्रीय मंत्री को ट्वीट किया गया था। इस मामले को लेकर केंद्रीय मंत्री ने जांच के आदेश दिए हैं। इसकी रिपोर्ट भी मांगी है। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एयरलाइन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है। उन्होंने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि इस तरह के बर्ताव को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। किसी भी इंसान को इस तरह की परिस्थिति से नहीं गुजरना चाहिए। मैं खुद इस मामले की जांच कर रहा हूं, जिसके बाद उचित कार्रवाई की जाएगी। आदेश दिए जाने के बाद डीजीसीए ने एयरलाइंस कंपनी से रिपोर्ट मांगी है। इस मामले में एयरपोर्ट अथॉरिटी और एयरलाइंस कंपनी का कहना है कि बाकी यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए एक दिव्यांग बच्चा सात मई को अपने परिवार के साथ फ्लाइट में सवार नहीं हो सका। वह एग्रेसिव था। स्टाफ ने आखिरी समय तक उसके शांत होने का इंतजार किया लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 May 2022

new delhi, Jahangirpuri SHO ,attacked

नई दिल्ली। दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में हुई हिंसा के बाद एसएचओ राजेश कुमार पर गाज गिरी है। उन्हें एसएचओ के पद से हटाकर अगली तैनाती तक के लिए जिले से अटैच कर दिया गया है। उनकी जगह नए एसएचओ अरुण कुमार लेंगे। माना जा रहा है कि जहांगीरपुरी में जिस तरह से दो समुदायों के बीच बवाल मचा था और दिल्ली पुलिस की जमकर किरकिरी हुई थी, उस कारण ही एसएचओ पर गाज गिरी है। हालांकि पुलिस मुख्यालय का कहना है कि एसएचओ का तबादला एक रूटीन प्रक्रिया का हिस्सा है। वहीं सूत्रों की मानें तो एसएचओ को थाना से हटाने के लिए पहले ही जिले की तरफ से मुख्यालय से सिफारिश की गई थी। इसमें यह कहा गया था कि एसएचओ को यहां से हटाया जाए। बहरहाल राजेश कुमार जिले में ही तैनात रहेंगे। माना जा रहा है कि जबतक उनकी कहीं तैनाती नहीं कर दी जाती है, तब तक वे जिले में काम करेंगे। अब तक हुई कार्रवाई जहांगीरपुरी हिंसा मामले को लेकर स्थानीय पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच आरंभ की, लेकिन बाद में जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई। स्थानीय पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम अबतक इस मामले में 33 आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि तीन नाबालिग आरोपितों को भी दबोच चुकी है। जांच में जुटी क्राइम ब्रांच की टीम अभी कई और संदिग्ध आरोपितों की तलाश में छापेमारी कर रही है। क्या है पूरा मामला राजधानी के जहांगीरपुरी में हनुमान जयंती की शोभायात्रा पर पथराव हुआ था और आगजनी की घटनाएं हुईं थीं। भारी हंगामा हुआ था। कुशल सिनेमा के पास उपद्रवियों ने कई गाड़ियों को नुकसान पहुंचाया था और कई गाड़ियों के शीशे तोड़ दिए थे। कई गाड़ियों को आग के हवाले भी कर दिया गया था। हिंसा व आगजनी की इस घटना में आठ पुलिसकर्मी और एक आम नागरिक समेत कुल नौ लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे। सभी घायलों को बाबू जगजीवनराम अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 May 2022

new delhi, AAP government ,crack down , drug trade ,Kejriwal

  नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पंजाब में नशे के कारोबार पर आप सरकार नकेल कसने की तैयारी में है। केजरीवाल ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि पंजाब के युवाओं को नशे से बाहर लाना सबसे जरूरी है। आप सरकार इस दिशा में काम कर रही है। पंजाब में अब एक ईमानदार सरकार है। वहां नशा बेचने वालों को कोई संरक्षण नहीं दिया जाएगा। उन पर राज्य सरकार सख्त कार्रवाई करेगी। केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी पूरी शिद्दत से पंजाब के लोगों के साथ मिलकर इस समस्या का समाधान करेगी।   उल्लेखनीय है कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज नशे के खात्मे के लिए सीनियर पुलिस अफसरों की बैठक बुलाई थी। इस बैठक में उन्होंने नशा उन्मूलन के लिए कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मान ने आज अपने बयान में कहा कि राज्य के नौजवान नशे से पीड़ित हैं लेकिन वह दोषी नहीं हैं। पहले राज्य में नशे का कारोबार करने वालों को पकड़ कर उन पर कार्रवाई की जाएगी। उसके बाद सरकार नौजवानों का पुनर्वास भी कराएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 May 2022

new delhi, CRPF contingent, deployed in Shaheen Bagh

  नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग में अवैध अतिक्रमण के खिलाफ निगम का बुलडोजर चलाने का विरोध शुरू हो गया है। कुछ लोग बुल्डोजर के आगे बैठकर विरोध प्रदर्शन करने लगे। वहीं सुरक्षा को मद्देनजर यहां केन्द्रीय रिजर्व पुलिस ब (सीआरपीएफ) की एक टुकड़ी तैनात की गई है। वहीं पुलिस बल भी भारी मात्रा में तैनात है। सीआरपीएफ के प्रवक्ता दिलीप अंबेश ने ‘हिन्दुस्थान समाचार’ को बताया कि शाहीन बाग में सुरक्षा को देखते हुए सीआरपीएफ की टुकड़ी तैनात की गई है। जिसमें 75 पुरूष जवान और 45 महिला कर्मी शामिल है। उल्लेखनीय है कि बीते एक महीने से दिल्ली नगर निगम अवैध अतिक्रमण को लेकर पूरे तरीके से एक्शन में है। इसी को देखते हुए पिछले दिनों एक विशेष अभियान की शुरुआत की गई थी, लेकिन इस विशेष अभियान में पुलिस सुरक्षा न मिलने के चलते कार्रवाई के ऊपर कुछ दिनों के लिए रोक लग गई थी, जिसके बाद आज से दोबारा से अवैध अतिक्रमण के खिलाफ निगम अपने कार्रवाई अभियान की शुरुआत की, लेकिन बुलजोडर के सामने लोग बैठक गये और कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं।   वहीं शाहीन बाग में अतिक्रमण के खिलाफ बुलडोजर चलाने का विरोध करने पर पुलिस ने कांग्रेस प्रवक्ता परवेज आलम को हिरासत में लिया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 May 2022

kolkata, "Easy" cyclonic storm, intensified,Bay of Bengal

कोलकाता। बंगाल की खाड़ी में बना "आसानी" चक्रवाती तूफान से पश्चिम बंगाल के समुद्री तटीय क्षेत्रों में बारिश हो रही है। तेज हवाएं चल रही हैं। चक्रवाती तूफान लगातार मजबूत हो रहा है। यह जानकारी सोमवार को मौसम विज्ञान विभाग ने दी। फिलहाल यह चक्रवात सोमवार सुबह करीब 8:00 बजे अंडमान निकोबार दीप समूह के पोर्ट ब्लेयर से 620 किलोमीटर उत्तर पश्चिम और आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम समुद्र तट से 640 किलोमीटर दक्षिण पूर्व, ओडिशा के पुरी समुद्र तट से 740 किलोमीटर दक्षिण दक्षिण पूर्व में स्थित था। मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक यह धीरे-धीरे तटीय क्षेत्रों की ओर बढ़ रहा है। इसकी वजह से पश्चिम बंगाल, अंडमान निकोबार द्वीप समूह और आंध्र प्रदेश में कुछ स्थानों पर बारिश हो रही है। पश्चिम बंगाल में इसका सबसे अधिक प्रभाव 10 मई को पड़ेगा। नौ मई तक समुद्र से मछुआरों को वापस लौटने को कह दिया गया है। मौसम विज्ञान विभाग के पूर्वी क्षेत्रीय निदेशक जीके दास के मुताबिक चक्रवात के प्रभाव से दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना, पूर्व मेदिनीपुर समेत कोलकाता, हावड़ा और हुगली में बारिश हो रही है। 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही है। मंगलवार को 60- 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। सोमवार को राजधानी कोलकाता में अधिकतम तापमान 35.3 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 27.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। 12 मई को चक्रवात का प्रभाव खत्म हो जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 May 2022

rishikesh, Car fell  ditch , Rishikesh-Badrinath highway

  ऋषिकेश। ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर रविवार सुबह एक कार कौड़ियाला के निकट तोता घाटी के समीप खाई में जा गिरी। इस हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई। एसडीआरएफ और पुलिस की टीम ने सभी शवों को खाई से निकाल लिया है। रविवार की सुबह जिला टिहरी गढ़वाल पुलिस को सूचना मिली कि कौड़ियाला से करीब पांच किलोमीटर आगे बछेलीखाल की ओर एक आल्टो कार करीब 300 मीटर गहरी खाई में गिर गई है। सूचना मिलने के बाद ब्यासी में तैनात एसडीआरएफ की टीम और पुलिस की टीम को रेस्क्यू के लिए रवाना किया गया। टीमों ने रेस्क्यू करके सभी शवों को श्रीनगर अस्पताल भेजा दिया है। एसडीआरएफ टीम के प्रभारी उपनिरीक्षक नीरज चौहान ने बताया कि कार में सवार तीन महिलाएं और दो पुरुष मेरठ से शादी की खरीदारी करके लौट रहे थे। रविवार की सुबह 6:30 बजे इग्निश कार अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिर गई। यह सभी एक ही परिवार के सदस्य हैं। पुलिस के मुताबिक मृतकों में पिंकी (25) पुत्री त्रिलोक सिंह, प्रताप सिंह (40) पुत्र देव सिंह, भागीरथी देवी (36) पत्नी प्रताप सिंह, विजय (15) पुत्र प्रताप सिंह, मंजू (12) पुत्री प्रताप सिंह हैं। यह सभी ग्राम बाक, तहसील थराली, जनपद चमोली के निवासी हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 May 2022

mumbai, Navneet Rana challenges , contest against ,Chief Minister Uddhav

  मुंबई। महाराष्ट्र के अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत कौर राणा ने राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चुनाव लड़ने का चैलेंज दिया है। सांसद राणा ने कहा कि मुख्यमंत्री में यदि दम हो तो वह जनता के बीच जाकर चुनाव लड़ कर दिखाए। वह राज्य के किसी भी चुनावी क्षेत्र से जनता के सहयोग से मुख्यमंत्री को परास्त कर सकती हैं। लीलावती अस्पताल से सांसद नवनीत राणा को रविवार सुबह छुट्टी दे दी गई। इसके बाद राणा ने राज्य सरकार और मुख्यमंत्री की तीखी आलोचना की है। राणा ने कहा कि राज्य सरकार ने एक महिला की आवाज दबाने के काम किया है। शिवसेना सत्ता का गलत इस्तेमाल कर रही है। राणा ने मुख्यमंत्री को चुनौती देते हुए कहा कि यदि मुख्यमंत्री में हिम्मत हो तो वह चुनाव लड़ें। वह राज्य के किसी भी चुनावी क्षेत्र से मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ने को तैयार हैं। सांसद ने विश्वास जताया कि बीएमसी चुनाव में राम और हुनमान के भक्त शिवसेना के पापों की लंका डुबो देंगे। राणा ने कहा कि अगर हनुमान चालीसा पढ़ना और राम का नाम लेना अपराध है और इसकी सजा 14 दिन की जेल है। वह इसके लिए 14 वर्ष तक जेल में रहने के लिए तैयार हैं। उल्लेखनीय है कि मुंबई पुलिस ने उपनगरीय बांद्रा में मुख्यमंत्री ठाकरे के निजी आवास ‘मातोश्री’ के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने की घोषणा के बाद 23 अप्रैल को राणा दंपति को गिरफ्तार किया था। उन पर राजद्रोह और वैमनस्व को बढ़ावा देने के आरोप सहित आईपीसी के विभिन्न प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया था। राणा दंपति ने अपनी जमानत याचिका में दावा किया था कि ‘मातोश्री’ के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने के आह्वान को वैमनस्य या घृणा की भावनाओं को बढ़ावा देने वाला नहीं कहा जा सकता है। दिल्ली जा कर करेंगी शिकायत   शिवसेना सांसद संजय राऊत ने नवनीत राणा को 20 फिट गहरे गड्ढे में दबाने की धमकी दी थी। इस पर राणा ने राऊत को पोपट (तोता) करार दिया। राणा ने कहा कि राज्य की व्यवस्थाएं राजनीतिक दबाव में है। नतीजतन वह दिल्ली जा कर राऊत के खिलाफ शिकायत दर्ज कराएंगी। साथ ही वह प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से मुलाकात कर राज्य में चल रही तानाशाही से भी अवगत कराएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 May 2022

chandigarh,Relief to BJP leader, Tejinder Bagga

चंडीगढ़। पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने भाजपा नेता तेजिन्दरपाल सिंह बग्गा को राहत देते हुए दस मई तक उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। हाईकोर्ट ने यह फैसला आधी रात को दिया। जस्टिस अनूप चितकारा ने अपने आवास पर इस केस की सुनवाई की। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ टिप्पणी के बाद मोहाली पुलिस ने तेजिंदर पाल बग्गा के खिलाफ मामला दर्ज किया था। बग्गा की गिरफ्तारी को लेकर शुक्रवार को दिनभर वोल्टेज ड्रामा चलता रहा। इस मामले में पंजाब, हरियाणा व दिल्ली पुलिस आपस मे भिड़ी हुई है। शनिवार को मोहाली की अदालत ने बग्गा का गिरफ्तारी वारंट जारी कर पुलिस को निर्देश दिए थे कि उन्हें तुरंत गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया जाए। मोहाली कोर्ट के इस फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई। जस्टिस अनूप चितकारा के आवास पर शनिवार की रात कोर्ट लगाई गई। जहां पंजाब के महाधिवक्ता अनमोल रतन सिद्धू ने अपना पक्ष रखा। बग्गा के वकीलों ने तर्क दिया कि इस मामले में एक याचिका हाईकोर्ट में चल रही है। जिसपर मंगलवार को सुनवाई होगी। ऐसे तब तक बग्गा को राहत दी जाए। लंबी बहस के बाद जस्टिस अनूप चितकारा ने बग्गा की गिरफ्तारी पर 10 मई तक रोक लगा दी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 May 2022

gopeshwar, dham resonated,cheers of Badri Vishal

गोपेश्वर। बदरीनाथ धाम के कपाट रविवार को ब्रह्म मुहूर्त में छह बजकर 15 मिनट पर आम श्रद्धालुओं के लिए खोल दिये गए हैं। कपाट खुलने के अवसर पर करीब 10 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने भगवान बद्री विशाल और अखंड ज्योति के दर्शन कर घृत कंबल का प्रसाद ग्रहण किया। बदरीनाथ के कपाट खुलने के साथ ही चारधाम यात्रा विधिवत शुरू हो गई है।   बदरीनाथ धाम में रात से ही दर्शनों के लिए श्रद्धालु कतारों में खड़े होने शुरू कर दिए। सुबह चार बजे के आसपास कपाट खुलने की प्रक्रिया शुरू हुई। पहले दक्षिण द्वार से भगवान कुबेर ने बदरीनाथ मंदिर में प्रवेश किया। उसके बाद वीआईपी गेट से बदरीनाथ के मुख्य पुजारी रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी, धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल और वेदपाठियों ने उद्धव जी की उत्सव मूर्ति के साथ मंदिर के अंदर प्रवेश किया।   उद्धव और कुबेर की मूर्ति को गर्भगृह में रखने से पहले मां लक्ष्मी को गर्भगृह से बाहर लाकर लक्ष्मी मंदिर में विराजित किया गया। तड़के ही मुख्य पुजारी रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी के निर्देशन में द्वार पूजन का कार्यक्रम हुआ। पूजा-अर्चना के बाद गाड़ू घड़े को मंदिर के अंदर ले जाया गया। ठीक सुबह 6ः15 बजे जयकारों के बीच बद्री विशाल के कपाट खोले गए।   इस मौके पर डीजीपी अशोक कुमार, जिलाधिकारी हिमांशु खुराना, एसपी श्वेता चैबे, विधायक बदरीनाथ राजेन्द्र भंडारी, पूर्व विधायक महेंद्र भट्ट भी उपस्थित रहे। इस अवसर पर मंदिर को भव्य रूप से गेंदे के फूलों से सजाया गया था। सेना के बैंड की भक्तिमय धुनों एवं जय बद्रीविशाल के जयकारों के साथ देश-विदेश से आये हजारों श्रद्धालु कपाट खुलने के साक्षी बने। श्री बदरीनाथ मंदिर के कपाट खुलते ही चारधाम की यात्रा विधिवत शुरू हो गई है।   उल्लेखनीय है कि तीन मई को श्री गंगोत्री व श्री यमुनोत्री धाम और छह मई को श्री केदारनाथ धाम के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ के लिए खोले गए। दो साल कोविड के कारण चारधाम यात्रा प्रभावित रही लेकिन इस बार कपाट खुलने के साथ भारी संख्या में श्रद्धालु और भक्तगण चार धामों में पहुंचे हैं। यह सिलसिला लगातार जारी है। बदरीनाथ धाम के कपाट खोले जाने के अवसर पर श्रद्धालु और भक्तजन देर रात से ही भगवान बद्रीविशाल के दर्शन करने हेतु कतार पर अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। कपाट खुलते ही श्रद्धालुओं द्वारा बारी-बारी से भगवान बद्रीविशाल के दर्शन किये। इस अवसर पर श्री बदरीनाथ धाम के मुख्य पुजारी रावल ईश्वर प्रसाद नंबूदरी, नायब रावल अमरनाथ नंबूदरी, धर्माधिकारी आचार्य भुवन चंद्र उनियाल, बद्री केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय, उपाध्यक्ष किशोर पंवार, आशुतोष डिमरी, वीरेंद्र असवाल, हरीश सेमवाल आदि मौजूद थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 May 2022

kulgam, Two terrorists,Lashkar commander killed , Kulgam encounter

  कुलगाम। कुलगाम जिले के देवसर इलाके में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकियों को मार गिराया है। इसके साथ ही मुठभेड़ खत्म हो चुकी है। मारे गए आतंकियों में एक पाकिस्तान का रहने वाला और दूसरा स्थानीय आतंकी शामिल है। सुरक्षाबलों को शनिवार देर रात के बाद देवसर के चीयान नामक क्षेत्र में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली। इस पर कुलगाम पुलिस ने सेना और सीआरपीएफ के जवानों ने साथ मिलकर क्षेत्र में तलाशी अभियान शुरू किया। इस दौरान इलाके में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। सुरक्षाबलों ने सबसे पहले आतंकियों को आत्मसमर्पण करने की चेतावनी दी लेकिन आतंकियों ने गोलीबारी जारी रखी। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा आतंकी संगठन के दो आतंकियों को मार गिराया है।   कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने बताया कि कुलगाम के देवसर के चीयान नामक क्षेत्र में रविवार सुबह से शुरू हुई मुठभेड़ अब खत्म हो चुकी है। इस मुठभेड़ में मारे गए दोनों आतंकियों में से एक की पहचान पाकिस्तान के रहने वाले हैदर के रूप में हुई है। वह लश्कर-ए-तैयबा आतंकी संगठन का कमांडर था। मुठभेड़ में मारा गया दूसरा आतंकी स्थानीय है और उसकी पहचान कुलगाम निवासी शहबाज शाह के रूप में हुई है। उन्होंने कहा कि सुरक्षाबलों ने क्षेत्र में अभी भी तलाशी अभियान जारी रखा हुआ है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 May 2022

bhopal, Mother, origin of creation

मदर्स डे विशेष (प्रवीण कक्कड़) आधुनिक समाज में यह परंपरा विकसित हो गई है कि कोई ना कोई तारीख या दिन किसी विशेष प्रयोजन को समर्पित किया जाता है। आज का दिन मदर्स डे के रूप में मां को समर्पित किया गया है। मां होने का अर्थ क्या है? एक मां तो वह है जिसने हमें जन्म दिया है और हमारा लालन पालन करके संसार में उतरने के लिए तैयार किया है। दूसरी मां धरती मां है जो हमारे लिए अन्न, जल और दूसरी चीजें उपलब्ध कराती हैं, ताकि हम अपना भरण-पोषण कर सकें। तीसरी मां प्रकृति है जिसने इस सारे ब्रह्मांड की उत्पत्ति की है। यहां जरा खुद से पूछेंगे कि आखिर हमने क्यों धरती को और प्रकृति को और बल्कि बहुत सी ईश्वरीय शक्तियों को भी मां के रूप में ही स्वीकार किया है। बहुत से देश अपने राष्ट्र को पितृभूमि कहते हैं लेकिन हम अपने देश को मातृभूमि कहते हैं। हमारी सारी देवियां माता हैं। यह विश्लेषण बताता है कि भारत की संस्कृति सिर्फ नारी की पूजा ही नहीं करती बल्कि अपनी हर महान चीज को माता के स्वरूप मानती है। हमारी सभ्यता और संस्कृति ईश्वर को संसार का निर्माता और माता के स्वरूप को संसार का भरण पोषण करने वाला और पालन करने वाला मानता है। ईश्वर सब जगह नहीं हो सकता, इसलिए उसने मां बनाई। लेकिन मैं एक बात और आप से कहता हूं कि दुनिया में हर चीज हर जगह आपको मिल सकती है, लेकिन मां और कहीं नहीं मिल सकती। क्या कभी किसी मां ने अपने बच्चों से या अपने परिवार से अपने इस सेवा, समर्पण और त्याग की कीमत मांगी है। एक बात और ध्यान रखिए कि उसका यह सेवा, समर्पण और त्याग बिना किसी साप्ताहिक अवकाश के, बिना किसी राष्ट्रीय अवकाश और बिना किसी धार्मिक अवकाश के जीवनपर्यंत चलता रहता है।  रामचरितमानस में कहा गया है: "मात पिता गुरु प्रभु की बानी, बिनहिं बिचार करेहु सुभ जानी।" यहां एक बात पर गौर कीजिए तुलसीदास जी ने यह तो लिखा ही है कि मां की वाणी को बिना विचार किए हुए ही अपने लिए शुभ समझ लेना चाहिए, लेकिन इस बात पर भी ध्यान दीजिए की मां का दर्जा पिता, गुरु और ईश्वर तीनों से पहले दिया गया है। अर्थात सृष्टि में जो भी पूजनीय हैं, उनमें मां सर्वोच्च है। हमारी कई भाषाओं में से एक प्रार्थना में कहा गया है "पूत कपूत सुने बहुतेरे माता कभी ना कुमाता" यानी लड़के तो बहुत से बिगड़ सकते हैं लेकिन मां तो मां ही रहती है। छत्रपति शिवाजी महाराज और महात्मा गांधी जैसे हमारे राष्ट्रीय नेताओं के व्यक्तित्व को गढ़ने में सबसे ज्यादा भूमिका उनकी माताओं की ही रही है। आज के समय को देखें तब भी आप पाएंगे कि सुबह सुबह बच्चों के लिए नाश्ता बनाने से लेकर उन्हें स्कूल तक छोड़ने की जिम्मेदारी भी अधिकांश माताएं उठाती हैं। उनके छोटे से कष्ट करने वालों सबसे पहले माता ही करती है। मां को अपने बच्चों की पसंद और नापसंद का जितना कह रहा अंदाजा होता है उतना किसी मित्र या अभिभावक को नहीं होता। यहां तक कि प्रेमी और प्रेमिका भी एक दूसरे को इतनी गहराई से नहीं समझते इतनी गहराई से माता अपनी संतान को समझती है। इसीलिए यह बहुत स्पष्ट है की माता सिर्फ हमें जन्म नहीं देती या हमें दुलार नहीं देती वह असल में इस संसार का मूल है। वह स्वयं सृष्टि है और सृष्टि की जननी भी है। इस मदर्स डे पर अपनी माता को प्रणाम करिए और उसके चरणों में नमन करके सारी सृष्टि को वंदन करिए।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 May 2022

srinagar,One policeman injured , terrorist attack

श्रीनगर। जिले में डॉक्टर अली जान रोड पर ऐवा ब्रिज के पास शनिवार को आतंकियों के हमले में एक पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल जवान की पहचान गुलाम हसन डार पुत्र गुलाम रसूल डार, दानवर ईदगाह के रूप में हुई। हमले के तुरंत बाद आतंकी मौके से भाग निकले। आतंकियों ने पुलिसकर्मी पर उस समय हमला किया जब वह बाइक से ड्यूटी जा रहा था। वह पीसीआर श्रीनगर में तैनात है। इस हमले की जिम्मेदारी द रेजिस्टेंस फ्रंट ने ली है। पुलिस के एक अधिकारी ने इस हमले की पुष्टि करते हुए कहा कि आतंकी पहले से ही घात लगाकर बैठे थे। शनिवार की सुबह अली जान रोड पर जब पुलिस का जवान गुलाम हसन अपनी बाइक से पीसीआर की तरफ जा रह था तभी आतंकियों ने सामने से उसपर अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। गोली लगते ही गुलाम हसन सड़क पर गिर गया। इसके बाद हमलावर घटनास्थल से फरार हो गए। इस हमले के कुछ ही देर बाद पहुंची पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से हसन को स्किम्स अस्पताल पहुंचाया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। सुरक्षाबलों ने पूरे क्षेत्र की घेराबंदी करके आतंकियों की धर-पकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। साथ ही पुलिस की एक टीम इलाके में लगे सीसीटीवी की जांच कर रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 May 2022

chandigarh, Mohali Court, issues arrest warrant , Tejinder Bagga

चंडीगढ़। जहां भाजपा नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को लेकर पंजाब की राजनीति गरमाई हुई है वहीं मोहाली की अदालत ने शनिवार बाद दोपहर तेजिंदर बग्गा के गिरफ्तारी के लिए वारंट जारी कर दिया है। इससे पहले हरियाणा के गुरुग्राम की अदालत ने बग्गा को घर भेजते वक्त दिल्ली पुलिस को उसकी सुरक्षा यकीनी बनाने के निर्देश दिए थे। तेजिंदर बग्गा के खिलाफ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर टिप्पणी करने के आरोप में मामला दर्ज है। बग्गा की गिरफ्तारी को लेकर शुक्रवार को दिनभर महाभारत छिड़ी रही। वहीं हरियाणा, पंजाब व दिल्ली पुलिस आपस में उलझी रही। लंबी उठापटक के बाद शुक्रवार देर रात बग्गा को घर भेज दिया गया। शनिवार को हाई कोर्ट में इससे जुड़े मामले की जब सुनवाई हुई तो हाई कोर्ट ने मंगलवार तक मामले को लंबित कर दिया। हाई कोर्ट की कार्रवाई के कुछ घंटे बाद मोहाली की ज्यूडिशियल कोर्ट ने तेजिंदर पाल की गिरफ्तारी के लिए वारंट जारी कर दिया। वारंट में कहा गया है कि तेजिंदर के खिलाफ आईपीसी की धारा 153-ए, 505, 505(2), 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है। न्यायाधीश ने पंजाब पुलिस को निर्देश दिए हैं कि वह तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को तुरंत गिरफ्तार करके अदालत में पेश करे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 May 2022

new delhi, PM reviews, implementation ,National Education Policy

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2020 के क्रियान्वयन की समीक्षा के लिए एक उच्चस्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति के अन्तर्गत शिक्षा को समानता, सर्व सुलभ, सर्व समावेशी और गुणवत्ता के उद्देश्यों के साथ लागू किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ने स्कूल जाने वाले बच्चों को तकनीक के अत्यधिक जोखिम से बचाने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन सीखने की हाइब्रिड प्रणाली विकसित करने पर जोर दिया। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि विज्ञान प्रयोगशालाओं वाले माध्यमिक विद्यालयों को अपने क्षेत्र के किसानों को मिट्टी के परीक्षण के लिए जोड़ना चाहिए। इससे मिट्टी के स्वास्थ्य के बारे में किसानों और छात्रों में जागरूकता पैदा होगी। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय संचालन समिति के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा तैयार की जा रही है। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के अनुसार बैठक में प्रधानमंत्री को अवगत कराया गया कि राष्ट्रीय संचालन समिति के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा तैयार करने का कार्य प्रगति पर है। स्कूली शिक्षा में, बालवाटिका में गुणवत्ता ईसीसीई, निपुण भारत, विद्या प्रवेश, परीक्षा सुधार और कला-एकीकृत शिक्षा, खिलौना-आधारित शिक्षाशास्त्र जैसे अभिनव शिक्षण जैसे पहलों को बेहतर सीखने के परिणामों और बच्चों के समग्र विकास के लिए अपनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आंगनबाडी केन्द्रों द्वारा अनुरक्षित डेटाबेस को स्कूल डेटाबेस के साथ समेकित रूप से एकीकृत किया जाना चाहिए क्योंकि बच्चे आंगनबाडी से स्कूलों में जाते हैं। स्कूलों में बच्चों के लिए नियमित स्वास्थ्य जांच और स्क्रीनिंग तकनीक की मदद से की जानी चाहिए। छात्रों में वैचारिक कौशल विकसित करने के लिए स्वदेशी रूप से विकसित खिलौनों के उपयोग पर जोर दिया जाना चाहिए। प्रधानमंत्री को यह भी बताया गया कि आजीवन सीखने के लिए मल्टीपल एंट्री-एग्जिट सिस्टम के दिशा-निर्देशों के साथ-साथ डिजी लॉकर प्लेटफॉर्म पर एकेडमिक बैंक ऑफ क्रेडिट लॉन्च करने से अब छात्रों को उनकी सुविधा और पसंद के अनुसार अध्ययन करना संभव हो जाएगा। अकादमिक बैंक ऑफ क्रेडिट में पंजीकृत लगभग 400 उच्च शिक्षण संस्थानों के साथ उच्च शिक्षा में एकाधिक प्रवेश व निकास एक वास्तविकता बन गया है। यूजीसी के दिशा-निर्देशों के अनुसार छात्रों को एक साथ दो शैक्षणिक कार्यक्रम करने की अनुमति दी गई है। शैक्षणिक उपलब्धि में भाषा संबंधी बाधाओं को दूर करने के लिए बहुभाषीयता को बढ़ावा दिया जा रहा है। यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि अंग्रेजी के ज्ञान की कमी किसी भी छात्र की शैक्षिक प्राप्ति में बाधा न बने। इस उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए राज्य मूलभूत स्तर पर द्विभाषी/त्रिभाषी पाठ्यपुस्तकों का प्रकाशन कर रहे हैं और दीक्षा मंच पर सामग्री 33 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध कराई गई है। एनआईओएस ने माध्यमिक स्तर पर भारतीय सांकेतिक भाषा (आईएसएल) को भाषा विषय के रूप में पेश किया है। एनईपी 2020 की सिफारिशों के अनुसार भारतीय ज्ञान प्रणाली को बढ़ावा दिया जा रहा है। एआईसीटीई में एक भारतीय ज्ञान प्रणाली (आईकेएस) सेल की स्थापना की गई है और देश भर में 13 आईकेएस केंद्र खोले गए हैं। बैठक में केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर, सुभाष सरकार, अन्नपूर्णा देवी और राजकुमार रंजन सिंह और प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव, कैबिनेट सचिव, प्रधानमंत्री के सलाहकार, यूजीसी के अध्यक्ष, एआईसीटीईए, एनसीईआरटी और शिक्षा मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 May 2022

dehradoon,doors of Badrinath Dham , open on Sunday

देहरादून। बद्रीनाथ धाम के कपाट रविवार को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। भगवान विष्णु को समर्पित बदरीनाथ मंदिर के कपाट प्रातः 6.15 बजे खुलेंगे। इस बीच बद्रीनाथ यात्रा के लिए लगभग 11000 तीर्थयात्री अपना पंजीकरण करवा चुके हैं।   शनिवार को कुबेर, उद्धव और आदिगुरू शंकराचार्य की गद्दी ग्राम पांडुकेश्वर से बद्रीनाथ धाम पहुंची है। कपाट खुलने के शुभ अवसर पर भगवान बद्रीनाथ धाम की भव्य सजावट की गई है। बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने के बाद चारधाम यात्रा की तीव्रता बढ़ जाएगी। इससे पहले यमुनोत्री, गंगोत्री और केदारनाथ धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोले जा चुके हैं। 6 मई को 13600 तीर्थयात्रियों ने गंगोत्री और यमुनोत्री के दर्शन किए, जबकि पहले ही दिन 23 हजार से अधिक तीर्थयात्रियों ने केदारनाथ के दर्शन किए। अब तक चारधाम यात्रा के लिए करीब 08 लाख से अधिक तीर्थयात्री पंजीकरण कर चुके हैं।   यात्रा की सभी तैयारियां पूरी पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने चारधाम यात्रा के लिए उत्तराखंड आने वाले तीर्थयात्रियों का स्वागत करते हुए कहा कि सरकार की ओर से चारधाम यात्रा के सफल संचालन के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। बद्रीनाथ धाम के कपाट रविवार 08 मई को खुलेंगे और चार धाम यात्रा पहले की तरह संपूर्ण रूप से संचालित की जाएगी। उत्तराखंड सरकार तीर्थयात्रियों के सर्वोत्तम आतिथ्य की सेवा के लिए तैयार है। सभी तीर्थयात्री मास्क पहनते हुए सावधानी के साथ धामों के दर्शन करें।   ऑनलाइन पंजीकरण कर रहे हैं तीर्थयात्री   पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने कहा कि टूरिस्ट केयर उत्तराखंड नामक दो मोबाइल एप और एक पोर्टल registrationandtouristcare.uk.gov.in के माध्यम से तीर्थयात्री ऑनलाइन पंजीकरण कर रहे हैं। ऑफलाइन पंजीकरण की भी विभिन्न स्थानों पर व्यवस्था की गई है। इसके लिए पर्यटन विभाग, परिवहन विभाग के साथ पूर्ण समन्वय बना कर वाहनों की जानकारी टूरिस्ट सेफ्टी मैनेजमेंट सिस्टम के साथ साझा की जा रही है। उन्होंने चारधाम यात्रा के सफल संचालन के लिए गढ़वाल आयुक्त, स्वास्थ्य विभाग, जिला प्रशासन और परिवहन विभाग के साथ समन्वय पर बल दिया। टोल फ्री नंबर पर दी जा रही जानकारी पर्यटन सचिव ने बताया कि उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद में बने कॉल सेंटर के टोल फ्री नंबर 1364 (अन्य राज्यों से 01351364) के माध्यम से यात्रियों को चार धाम यात्रा और पंजीकरण की पूरी जानकारी दी जा रही है। उनसे प्राप्त होने वाली शिकायतों को संबंधित विभाग को प्रेषित कर जरूरी कार्रवाई की जा रही है। पर्यटन विभाग का उद्देश्य आधुनिक तकनीक का प्रयोग कर तीर्थयात्रियों को अधिकतम सुविधा के साथ सफल यात्रा कराना है। यात्रियों की ठीक-ठीक संख्या जानने तथा यात्रा मार्ग पर उनकी निगरानी के लिए स्थानों पर कैमरे लगाए गए हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 May 2022

varanasi, Survey work , second day, Gyanvapi campus

वाराणसी। न्यायालय के आदेश पर ज्ञानवापी परिसर में लगातार दूसरे दिन शनिवार को भी सर्वे और वीडियोग्राफी को लेकर पूरे दिन गहमागहमी रही। दिन के दूसरे पहर में प्रतिवादी पक्ष के अधिवक्ताओं ने कोर्ट कमिश्नर को हटाने के लिए सिविल जज (सीनियर डिवीजन) रवि कुमार दिवाकर की अदालत ने अर्जी लगा सर्वे रोकने का पूरा प्रयास किया। अदालत ने उनकी याचिका स्वीकार कर दोनों पक्षों की दलीलें सुनी। इसके बाद सुनवाई की अगली तिथि 09 मई मुकर्रर की। अदालत ने अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी की ओर से दिए गए प्रार्थना पर सुनवाई करते हुए वादी पक्ष और एडवोकेट कमिश्नर से आपत्ति प्रस्तुत करने का आदेश दिया है। इसके बाद कोर्ट कमिश्नर और वादी पक्ष के अधिवक्ता कड़ी सुरक्षा के बीच ज्ञानवापी पहुंचते तो मस्जिद कमेटी पक्ष लोगों ने उन्हें अन्दर जाने ही नहीं दिया। जिसके चलते सर्वे का काम नहीं हो पाया। खास बात ये रही कि अधिवक्ता कमिश्नर और वादी पक्ष के पहुंचने के बाद लगभग एक घंटा देर से आये प्रतिवादी पक्ष के अधिवक्ताओं ने भी उन्हें बैरिकेटिंग के अंदर पहुंचने ही नहीं दिया। इससे नाराज वादी पक्ष के अधिवक्ता विष्णु जैन ने बताया कि न्यायालय ने स्पष्ट आदेश दिया था लेकिन उसका पालन नहीं हुआ । हमें वहां पहुंचने ही नहीं दिया गया । मुस्लिम समुदाय के लोग दरवाजे पर आकर खड़े हो गए। इस तरह सर्वे फिर रुक गया है। वादी पक्ष के अधिवक्ताओं ने बताया कि कोर्ट में वे एक याचिका दायर करेंगे और 09 मई को सुनवाई में उपस्थित होकर अपना पक्ष रखेंगे। वादी राखी सिंह सहित अन्य महिलाओं ने भी इसको लेकर विरोध जताया। मीडिया कर्मियों से बातचीत में उन्होंने कहा कि न्यायालय का सहारा लेंगे। सच सामने आकर रहेगा। इससे पहले सर्वे के लिए अधिवक्ता कमिश्नर और वादी पक्ष की टीम पहुंची तो श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नम्बर चार के पास जुटे मुस्लिम युवाओं ने फिर उग्र नारेबाजी शुरू कर दी। माहौल बिगाड़ने पर आमादा युवकों को देख पुलिस ने भी सख्त रूख अपना लिया। नमाज पढ़ने आये युवाओं को समझाने के साथ हटाना शुरू किया तो रामनगर निवासी अब्दुल कलाम नाम का युवक उग्र हो गया। यह देख पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया तो माफी भी मांगने लगा। प्रतिवादी पक्ष ने मीडिया से बात करने से इन्कार कर दिया ज्ञानवापी मामले में अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी के पदाधिकारियों के साथ अधिवक्ताओं ने दूसरे दिन सर्वे न होने पर बात करने से इंकार कर दिया। न्यायालय में कोर्ट कमिश्नर को हटाने के लिए याचिका दायर की। जिसमें कोर्ट कमिश्नर पर पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाने की बात कही है। प्रतिवादी पक्ष के अधिवक्ता अभयनाथ यादव व एकलाख अहमद ने अपनी याचिका में कहा कि सर्वे से पहले जिस भूमि के आराजी संख्या 9030 पर विग्रहों की वस्तुस्थिति देखी जानी है, उसकी वस्तु स्थिति पहले जांचनी चाहिए थी, लेकिन कोर्ट कमिश्नर ने ऐसा नहीं किया। कोर्ट कमिश्नर के आदेश में मस्जिद के अंदर प्रवेश कर सर्वे करने का कोई आदेश नहीं लिखा गया है फिर भी वह इस पर आमादा है। लिहाजा इन्हें हटाकर दूसरे अधिवक्ता के जरिए कमीशन की कार्रवाई कराई जाए। इसके पहले शुक्रवार को भारी गहमागहमी व विरोध के बावजूद ज्ञानवापी परिसर में करीब तीन घंटे तक चले सर्वे में कोर्ट कमिश्नर के अगुवाई में मस्जिद के पश्चिम ओर स्थित श्रृंगार गौरी व आसपास की फोटोग्राफी व वीडियोग्राफी कराई गई। वादी पक्ष के अधिवक्ता ने बताया था कि कुछ स्थलों की वीडियोग्राफी हुई है। मस्जिद परिसर के अंदर जाने को लेकर मुस्लिम पक्ष ने विरोध जताया है। शनिवार को अपरान्ह तीन बजे से पुनः कमीशन कार्रवाई होगी। बैरिकेडिंग के अंदर जाएंगे। मस्जिद के अंदर भी सर्वे होगा।   एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के ट्वीट ने माहौल गरमाया   शनिवार को एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी का ट्वीट भी सोशल मीडिया में चर्चा का विषय रहा। ओवैसी ने ट्वीट कर कहा कि काशी की ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वेक्षण करने का यह आदेश 1991 के पूजा स्थल अधिनियम का खुला उल्लंघन है, जो धार्मिक स्थलों के रूपांतरण पर रोक लगाता है। यह सरकार का कर्तव्य है कि वो कोर्ट के बताए कि वह गलत क्यों कर रही है। ओवैसी ने ट्वीट कर ज्ञानवापी-श्रृंगार गौरी सर्वे संबंधी वाराणसी कोर्ट के आदेश की निंदा की। उन्होंने कहा कि इस फैसले से एक बार फिर वैसा ही खून-खराबा शुरू हो सकता है, जैसा 1980-90 के दशक में मुस्लिम विरोधी हिंसा हुई थी। ‘काशी के ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे का कोर्ट का आदेश ‘1991 प्लेसेज ऑफ वर्शिप एक्ट’ का उल्लंघन है. प्लेसेज ऑफ वर्शिप एक्ट के मुताबिक, धार्मिक स्थलों की प्रकृति बदलना गैरकानूनी है।   अदालत का जो निर्णय है, उसे सबको निष्पक्ष रूप से मानना चाहिए : कौशल किशोर   वाराणसी आये केंद्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर ने ज्ञानवापी मामले में पत्रकारों से बातचीत में दो टूक कहा कि अदालत का जो निर्णय है, उसे सबको निष्पक्ष रूप से मानना चाहिए और शांति से सर्वे होने देना चाहिए। उन्होंने कहा कि सच को दिखाने या फिर उसकी वीडियोग्राफी पर किसी को भी आपत्ति नहीं होनी चाहिए। प्रतिवादी पक्ष के एडवोकेट कमिशनर को बदलने की मांग पर केन्द्रीय मंत्री कौशल किशोर ने कहा कि मांग तो कोई भी कर सकता है, लेकिन जब कोर्ट ने निर्णय कर दिया है कि ज्ञानवापी का सर्वे होना चाहिए तो किसी को भी सर्वे से डरने की क्या जरूरत है। सच तो सामने आने ही चाहिए। मुस्लिम पक्ष के ज्ञानवापी के अंदर का सर्वे तथा वीडियोग्राफी का विरोध नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि ज्ञानवापी का सर्वे होने के बाद सच सामने आएगा। आप भी जानते हैं कि ज्ञानवापी का मतलब क्या होता है। सर्वे पर किसी को उस पर शक नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब कोर्ट के निर्देश पर सर्वे तथा वीडियोग्राफी हो रही है तो तो यह सब परिसर में क्यों नहीं होगा। उन्होंने कहा कि वैसे भी ज्ञानवापी शब्द कोई उर्दू का शब्द नहीं है। अब कोर्ट के सर्वे के बाद सब तय हो जाएगा। यह मंदिर है या मस्जिद के फैसला अदालत करेगी। एआइएमआइएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के ज्ञानवापी मामले में ट्वीट पर उन्होंने कहा कि कोर्ट ने जो आदेश दिया है, उसका अनुपालन जरूरी है। अगर ओवैसी को लगता है कि कोर्ट का आदेश ठीक नहीं है तो वह दूसरी अदालत में जा सकते हैं।   क्या है मामला   दिल्ली की राखी सिंह सहित पांच अन्य की तरफ से सिविल जज सीनियर डिवीजन रवि कुमार दिवाकर की अदालत में वाद दाखिल कर ज्ञानवापी परिसर में स्थित श्रृंगार गौरी के नियमित दर्शन-पूजन व 1991 से पूर्व की स्थिति बहाल करते हुए आदि विश्वेश्वर परिवार के सभी विग्रहों को यथास्थिति में रखने की मांग की गई है। अदालत में सुनवाई के क्रम में आठ अप्रैल 2022 को अदालत ने कोर्ट कमिश्नर नियुक्त किया।   कोर्ट कमिश्नर ने 19 अप्रैल को सर्वे करने की तिथि से अदालत को अवगत कराया। इससे एक दिन पहले 18 अप्रैल को जिला प्रशासन ने शासकीय अधिवक्ता के जरिए याचिका दाखिल कर वीडियोग्राफी व फोटोग्राफ पर रोक लगाने की मांग की। 19 अप्रैल को दूसरा पक्ष अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी ने भी हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर रोकने की गुहार लगायी। हाईकोर्ट ने याचिका खारिज कर निचली अदालत के आदेश को बरकरार रखा। 20 अप्रैल को निचली अदालत ने भी सुनवाई पूरी की। 26 अप्रैल को निचली अदालत ने ईद के बाद सर्वे की कार्यवाही छह व सात मई को शुरू करने का आदेश दिया था ।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 May 2022

jhabua, Wife Dona Ganguly,speculation ,Sourav Ganguly

कोलकाता। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली के घर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के रात्रि भोज के बाद उनके राजनीति में आने के कयासों को अब खुद गांगुली की पत्नी डोना गांगुली ने हवा दे दी है। शनिवार को एक निजी अस्पताल के उद्घाटन के मौके पर सौरव गांगुली के साथ पहुंची उनकी पत्नी डोना गांगुली से जब गांगुली के राजनीति में आने की संभावनाओं के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि क्रिकेट की तरह वह राजनीति में भी अच्छी पारी खेलेंगे और लोगों के कल्याण के लिए काम करेंगे। गांगुली के किसी राजनीतिक दल में शामिल होने संबंधी लगाए जा रहे कयासों के बारे में जब उनसे पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अनुमान लगाना लोगों का काम है। अगर ऐसा कुछ होता है तो सभी को इसका पता चल जाएगा। मैं बस इतना कह सकती हूं कि सौरव राजनीति में भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे और लोगों के कल्याण के लिए काम करेंगे। हालांकि डोना गांगुली ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ अपने पारिवारिक संबंधों का जिक्र किया और कहा कि मुख्यमंत्री उनके परिवार के बेहद करीब हैं। कार्यक्रम में राज्य के परिवहन और शहरी विकास मंत्री तथा कोलकाता के मेयर फिरहाद हकीम भी उपस्थित थे। सौरव गांगुली ने उन्हीं के साथ मंच साझा किया। उल्लेखनीय है कि शुक्रवार रात केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और सांसद सुकांत मजूमदार, नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी, राज्यसभा सांसद स्वपन दासगुप्ता और भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय के साथ सौरव गांगुली के घर रात्रि भोज किया था। हालांकि जैसे ही यह खबर फैली थी कि शाह गांगुली के घर भोजन करेंगे उसके बाद से ही उनके एक राजनीतिक पार्टी में शामिल होने के कयास तेज हो गए थे। बाद में गांगुली ने गृहमंत्री शाह के साथ रात्रि भोज को केवल शिष्टाचार मुलाकात करार दिया था और कहा था कि राजनीति में आने संबंधी अटकलें बेबुनियाद हैं। इसके पहले 2021 के विधानसभा चुनाव के समय भी भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने गांगुली से नजदीकी बढ़ाई थी जिसके बाद दावा किया जा रहा था कि भाजपा उन्हें पश्चिम बंगाल से मुख्यमंत्री चेहरे के तौर पर घोषित कर सकती है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। दरअसल, राज्य में सरकार किसी की भी हो सौरव गांगुली के साथ संबंध अच्छे रहे हैं। वर्तमान में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ तो उनका पारिवारिक संबंध है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 May 2022

kolkata, Amit Shah, arrives ,Sourav Ganguly

कोलकाता। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पश्चिम बंगाल के अपने दो दिवसीय दौरे के आखिरी दिन शुक्रवार रात को भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के घर पहुंचे। कोलकाता स्थित गांगुली के आवास पर अमित शाह के साथ प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष सुकांत मजुमदार, राज्यसभा सदस्य स्वपन दासगुप्ता, नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी, उत्तर बंगाल के भाजपा प्रभारी और पार्टी के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय सहित भाजपा के अन्य नेता थे। रात 8:05 बजे अमित शाह गांगुली के घर पहुंचे और करीब 45 मिनट तक वहां रहे। गांगुली ने सबका स्वागत किया और उन्हें भोजन भी कराया है। जो वीडियो और तस्वीरें सामने आई हैं उसमें देखा जा सकता है कि अमित शाह खाने की टेबल पर मुख्य कुर्सी पर बैठे हुए हैं। उनके बगल में गांगुली बैठे हैं और उसके बाद भारतीय जनता पार्टी के अन्य नेता चारों ओर से बैठे हुए हैं। गांगुली की पत्नी और बेटी भोजन परोस रही हैं। 8:50 बजे अमित शाह सौरव गांगुली के घर से निकले और दिल्ली के लिए रवाना हुए।   भारतीय जनता पार्टी की ओर से बताया गया है कि यह अमित शाह की शिष्टाचार मुलाकात थी। इसका राजनीति से कोई लेना देना नहीं है।   सौरव गांगुली ने इस मामले में मीडिया से बात की और कहा कि अमित शाह के साथ मेरा बहुत पुराना संबंध है। शाह के बेटे जय शाह बीसीसीआई के सचिव हैं, इसलिए दोनों के संबंध पारिवारिक हैं और इस मुलाकात को शिष्टाचार मुलाकात के तौर पर ही देखा जानी चाहिए। हालांकि सौरव गांगुली से अमित शाह की मुलाकात के बाद गांगुली के भाजपा में शामिल होने को लेकर कयास भी लगाए जा रहे हैं।   सौरव गांगुली के पारिवारिक सूत्रों ने बताया है कि अमित शाह शाकाहारी भोजन करते हैं इसलिए उनके लिए उसी तरह का खाना बनाया गया था। शाह के स्वागत के लिए गांगुली के अलावा उनकी पत्नी डोना गांगुली, बड़े भाई स्नेहाशीष गांगुली और मां निरूपा गांगुली अगवानी के लिए उपस्थित थे। दोनों के बीच क्रिकेट, गांगुली की सेहत, मां की सेहत, परिवार की स्थिति, बेटी की पढ़ाई और खेल जगत की समस्याओं के बारे में ही बात हुई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 May 2022

ahmadnagar, Container-auto rickshaw, collide in Maharashtra, 6 killed

अहमदनगर। महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले कि कोपरगांव के दौच खुर्द में शुक्रवार सुबह कंटेनर और ऑटो रिक्शा की भिड़ंत हो गई। इस हादसे में 6 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और 7 अन्य लोग घायल हो गए। पुलिस के अनुसार शुक्रवार को सुबह करीब 8 बजे स्थानीय नाके की ओर आ रहे एक कंटेनर ने मोटर साइकिल को कट मार दी जिससे दुपहिया वाहन का संतुलन बिगड़ गया। इसी बीच यात्रियों को ले जा रहा ऑटो रिक्शा भी कंटेनर से टकरा गया। इस दुर्घटना में ऑटो रिक्शा पर सवार 10 में से 6 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। ऑटो रिक्शा में सवार 4 यात्री और मोटर साइकिल पर सवार 3 यानी कुल 7 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने सात घायलों को एसजेएस अस्पताल पहुंचाया और शवों को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा गया।   पुलिस अधिकारी वासुदेव देसाले ने बताया कि मरने वालों में चंदेकसारे निवासी राजीबाई खरात (60), वावी निवासी आत्माराम नाकोडे (65), हिंगनवेडे निवासी पूजा गायकवाड़ (20), चंडेकसरे निवासी प्रगति माननीय (20), श्रीरामपुर निवासी शैला खरात (42), श्रीरामपुर निवासी शिवाजी खरात (52) शामिल हैं। दुर्घटना के बाद कंटेनर चालक लुधियाना, पंजाब निवासी दर्शन सिंह नासिक की ओर भाग गया था लेकिन पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से उसे गिरफ्तार कर लिया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 May 2022

chandigarh, Haryana Police, sent back ,BJP leader Bagga

चंड़ीगढ़। भाजपा नेता तेजिंदर बग्गा को शुक्रवार को दिल्ली से गिरफ्तार कर पंजाब ले जा रही पंजाब पुलिस को हरियाणा पुलिस ने कुरुक्षेत्र में रोक लिया। कुरुक्षेत्र से पंजाब पुलिस को आगे नहीं बढ़ने दिया गया। हरियाणा पुलिस ने भाजपा नेता बग्गा को दिल्ली पुलिस को सौंप दिया। दिल्ली पुलिस कुरुक्षेत्र से बग्गा को लेकर दिल्ली के लिए रवाना हो चुकी है। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने पंजाब पुलिस के खिलाफ बग्गा को अगवा करने का मामला दर्ज किया है। आम आदमी पार्टी नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के विरुद्ध बयान देने के आरोप में तेजिंदर बग्गा के खिलाफ मोहाली में मामला दर्ज किया गया है। पंजाब पुलिस ने इस मामले में बग्गा को गिरफ्तार किया है। हरियाणा के कुरुक्षेत्र में दोनों राज्यों की पुलिस में तकरार हुई। कुरुक्षेत्र पुलिस बग्गा और पंजाब पुलिस के अधिकारियों और कर्मचारियों को पिपली थाने ले गई। वहां बातचीत हुई। भाजपा नेताओं ने बग्गा की गिरफ्तारी को गैरकानूनी बताया है। मोहाली के एसएसपी ने कुरुक्षेत्र के एसपी लिखित सूचित किया कि बग्गा की गिरफ्तारी कानूनी प्रक्रिया के अनुसार की गई है। बग्गा को पंजाब पुलिस द्वारा पांच नोटिस भेजे हैं। वह किसी भी नोटिस पर पुलिस के समक्ष पेश नहीं हुए। इसलिए उनकी गिरफ्तारी की गई। पंजाब पुलिस द्वारा बग्गा के विरुद्ध 01 अप्रैल को पीएस पंजाब स्टेट साइबर क्राइम मोहाली में हिंसा भड़काने, धमकी देने एवं सोशल मीडिया पर झूठा बयान प्रकाशित करने के आरोपों के तहत मामला दर्ज किया गया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 May 2022

ranchi, Rs 25 crore recovered , premises , IAS Pooja Singhal

रांची। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम ने झारखंड की वरिष्ठ आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल और उनसे जुड़े व्यक्तियों के 20 ठिकानों पर शुक्रवार की सुबह से छापेमारी जारी है। पूजा सिंघल के आवास से लगभग 25 करोड़ रुपये बरामद हुए हैं। इसके अलावा कई कागजात और दस्तावेज भी बरामद किये गये हैं। ईडी के मुताबिक बरामद नकदी की गिनती के लिए मशीन मंगाई गई है। ये पैसे इनके चार्टर्ड एकाउंटेंट के यहां से मिली है। रांची में कांके रोड के चांदनी चौक स्थित पंचवटी रेजिडेंसी के ब्लाक नंबर नौ, लालपुर के हरिओम टावर स्थित नई बिल्डिंग, बरियातू के पल्स अस्पताल में छापेमारी चल रही है। पल्स हॉस्पिटल पूजा सिंघल के पति और व्यवसायी अभिषेक झा का है। आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल के सरकारी आवास पर भी छापेमारी जारी है। छापेमारी के क्रम में किसी को भी अंदर जाने और बाहर आने नहीं दिया जा रहा है। दूसरी हो गोड्डा के भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने भी ट्वीट कर पूजा सिंघल के आवास से 17 करोड़ रुपये नगद मिलने की जानकारी दी है। ईडी ने मनरेगा घोटाले के एक मामले में झारखंड हाई कोर्ट के आदेश पर पूरे मामले की जानकारी से संबंधित शपथ पत्र दायर की थी। ईडी ने शपथ पत्र के माध्यम से कोर्ट को बताया था कि झारखंड के खूंटी जिले में मनरेगा में 18.06 करोड़ रुपये के घोटाले के वक्त वहां की उपायुक्त पूजा सिंघल थीं। इस मामले में वहां के जूनियर इंजीनियर राम विनोद प्रसाद सिन्हा गिरफ्तार कर जेल भेजे गए थे, जिन्होंने ईडी को दिए अपने बयान में यह स्वीकार किया था कि कमीशन की राशि उपायुक्त कार्यालय तक पहुंचती थी। ईडी ने चतरा और पलामू के भी दोनों मामलों की चल रही जांच की जानकारी अपने शपथ पत्र के माध्यम से हाई कोर्ट को दी थी। शपथ पत्र में बताया था कि पूजा सिंघल चतरा जिले में अगस्त 2007 से जून 2008 तक उपायुक्त के पद पर तैनात थीं। आरोप है कि उन्होंने दो एनजीओ को मनरेगा के तहत छह करोड़ रुपये का अग्रिम भुगतान किया था। इन दोनों एनजीओ में वेलफेयर पाइंट और प्रेरणा निकेतन शामिल है। यह राशि मूसली की खेती के लिए आवंटित की गई थी, जबकि इस तरह का कोई कार्य वहां नहीं हुआ था, जिसकी जांच अभी जारी है। इसके अलावा पलामू जिला में उपायुक्त रहते हुए पूजा सिंघल पर यह आरोप है कि उन्होंने करीब 83 एकड़ जंगल भूमि को निजी कंपनी को खनन के लिए ट्रांसफर किया था। यह कठौतिया कोल माइंस से जुड़ा मामला है। ईडी ने कोर्ट को बताया था कि इस मामले की भी जांच जारी है। साथ ही अवैध माइनिंग मामले में भी जांच की जा रही है। उल्लेखनीय है कि ईडी की टीम झारखंड सहित कई राज्यों में एक साथ छापेमारी कर रही है। ईडी झारखंड के रांची, खूंटी, राजस्थान के जयपुर, हरियाणा के फरीदाबाद और गुरुग्राम, पश्चिम बंगाल के कोलकाता, बिहार के मुजफ्फरपुर और दिल्ली एनसीआर सहित 20 स्थानों छापेमारी कर रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 May 2022

anantnaag,3 terrorists, top Hizbul commander, Ashraf Maulvi killed

अनंतनाग। अनंतनाग जिले के बटकूट पहलगाम इलाके में स्थित सिरचन टॉप पर आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच जारी मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया है। मारे गए आतंकियों में हिजबुल मुजाहिदीन का टॉप कमांडर मोहम्मद अशरफ मौलवी भी है। कोकरनाग के तेंगपावा का रहने वाला मोहम्मद अशरफ टाप 10 मोस्ट वांटेड सूची में शामिल था। वह सबसे ज्यादा लंबे समय तक जीवित रहा। 2013 में ही आतंकी बनने के बाद बहुत जल्द ही मोस्ट वांटेड आतंकी बन गया था। शुक्रवार को इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना के बाद सेना की 3 आरआर बटालियन, सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस के एसओजी के जवान सिरचन टॉप पहुंचे और उन्होंने तलाशी अभियान शुरू किया। तलाशी अभियान के दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों को अपने पास आता देख उन पर गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। समाचार लिखे जाने तक सुरक्षाबलों ने अभी तक तीन आतंकियों को मार गिराया है। अन्य आतंकी बटकूट के पहाड़ी इलाके सिरचन टॉप में छिपे हुए हैं। सुरक्षा बलों ने आतंकियों को पूरी तरह से घेर रखा है ताकि जंगल में पेड़ों के पीछे छिपे आतंकी गोलीबारी की आड़ में बचकर न निकल जाएं। समाचार लिखे जाने तक सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी थी। आईजीपी विजय कुमार ने अशरफ मौलवी समेत हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की है। घाटी में सबसे ज्यादा देर तक जीवित रहने वाला मोहम्मद अशरफ घाटी में आतंकियों की भर्ती करने में मुख्य भूमिका निभाता था। इसलिए उसका मारा जाना सुरक्षाबलों के लिए बड़ी सफलता है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 May 2022

new delhi,  world is looking , India with confidence, PM Modi

  नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि आज भारत के विकास के संकल्पों को दुनिया अपने लक्ष्यों की प्राप्ति का माध्यम मान रही है। वैश्विक शांति हो, वैश्विक समृद्धि हो, वैश्विक चुनौतियों से संबंधित समाधान हों या वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला का सशक्तिकरण हो, दुनिया भारत की तरफ बड़े भरोसे से देख रही है। प्रधानमंत्री मोदी ने आज जैन अंतर्राष्ट्रीय व्यापार संगठन के 'जीतो कनेक्ट 2022' के उद्घाटन सत्र को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित किया। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञता का क्षेत्र, कार्य क्षेत्र चाहे जो भी हो, विचारों में चाहे जितनी भी भिन्नता हो, लेकिन नए भारत का उदय सभी को जोड़ता है। आज सभी को लगता है कि भारत अब 'संभावना और क्षमता' से आगे बढ़कर वैश्विक कल्याण के एक बड़े उद्देश्य के लिए कार्य कर रहा है। सही उद्देश्य, स्पष्ट इरादा और अनुकूल नीतियों से जुड़ी अपनी बातों को दोहराते हुए उन्होंने कहा कि आज देश; जितना संभव हो सकता है, प्रतिभा, कारोबार और प्रौद्योगिकी को प्रोत्साहित कर रहा है। उन्होंने कहा कि आज देश प्रतिदिन दर्जनों स्टार्टअप का पंजीकरण कर रहा है, प्रति सप्ताह एक यूनिकॉर्न बना रहा है। मोदी ने कहा कि जब से सरकारी ई-मार्केटप्लेस यानी जीईएम पोर्टल अस्तित्व में आया है, सारी खरीद सबके सामने एक प्लेटफॉर्म पर होती है। अब दूरदराज के गांवों के लोग, छोटे दुकानदार और स्वयं सहायता समूह अपने उत्पाद सीधे सरकार को बेच सकते हैं। उन्होंने बताया कि आज जीईएम पोर्टल पर 40 लाख से अधिक विक्रेता जुड़ चुके हैं। उन्होंने पारदर्शी 'फेसलेस' टैक्स निर्धारण, एक राष्ट्र-एक टैक्स, उत्पादकता से जुड़ी प्रोत्साहन योजनाओं के बारे में भी बात की।   प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि भविष्य का हमारा रास्ता और मंजिल दोनों स्पष्ट हैं। आत्मनिर्भर भारत हमारा रास्ता भी है और संकल्प भी। बीते सालों में हमने इसके लिए हर ज़रूरी माहौल बनाने में निरंतर परिश्रम किया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 May 2022

new delhi, Prime Minister Modi ,returned home

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी यूरोपीय देशों जर्मनी, डेनमार्क और फ्रांस के अपने तीन दिवसीय दौरे के बाद गुरुवार को नई दिल्ली पहुंचे। सरकारी सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री आज देश के कुछ हिस्सों और आगामी मानसून सीजन को प्रभावित करने वाली हीटवेव से निपटने की तैयारियों पर एक महत्वपूर्ण समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करेंगे। अपने तीन देशों के यूरोपीय दौरे के दौरान, प्रधानमंत्री ने नवनिर्वाचित फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन के साथ बातचीत की, जिसमें रक्षा, अंतरिक्ष, असैनिक परमाणु सहयोग और लोगों से लोगों के बीच संबंधों सहित कई द्विपक्षीय मुद्दों के साथ ही क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दे पर चर्चा की। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने प्रस्थान से पहले ट्वीट किया, "फ्रांस की मेरी यात्रा संक्षिप्त लेकिन बहुत उपयोगी थी। राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन और मुझे विभिन्न विषयों पर चर्चा करने का अवसर मिला। मैं उन्हें और फ्रांस सरकार को गर्मजोशी से भरे आतिथ्य के लिए धन्यवाद देता हूं।" प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी यात्रा के दौरान जर्मनी, डेनमार्क और फ्रांस के नेतृत्व के साथ कई उच्च स्तरीय बैठकें कीं, साथ ही तीनों देशों में भारतीय प्रवासियों के साथ बातचीत भी की। अपनी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री ने जर्मनी और डेनमार्क के व्यापारिक नेताओं के साथ भी बातचीत की।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 May 2022

jammu, 5 magnitude earthquake , Jammu and Kashmir

  जम्मू। जम्मू-कश्मीर में गुरुवार को एक बार फिर भूकंप के झटके महसूस किए गए। सुबह 5.35 बजे आए इस भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5 मापी गयी है। हालांकि भूकंप से अभी तक किसी के हताहत होने या संपत्ति के नुकसान की कोई सूचना नहीं मिली है। भूकंप के समय ज्यादातर लोग अपने घरों में सो रहे थे और भूकंप की कंपन उन्हें महसूस तक नहीं हुई, लेकिन जिन लोगों को भूकंप के झटके महसूस हुए वह काफी देर तक अपने घरों से निकलकर खुले में ही रहे। आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारियों ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में गुरुवार सुबह 5.35 बजे रिक्टर पैमाने पर 5 तीव्रता का भूकंप आया। भूकंप का केंद्र ताजिकिस्तान के गोर्नाे-बदख्शां इलाके में था, जो पृथ्वी की पपड़ी के 108 किमी अंदर था। उन्होंने बताया कि अभी तक किसी के हताहत होने या संपत्ति के नुकसान की कोई सूचना नहीं है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 May 2022

chandigarh,4 terrorists arrested , Karnal, bullets and gunpowder

चंडीगढ़। हरियाणा पुलिस ने देश को दहलाने वाली खालिस्तानी साजिश बेनकाब करते हुए चार आतंकियों को पकड़ा है। चारों का संबंध पंजाब के आतंकी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल से है।इनके पास से बड़ी मात्रा में गोलियां, तीन आईईडी बम और विस्फोटक के कंटेनर मिले हैं। इस विस्फोटक के आरडीएक्स होने की आशंका जताई गई है। यह आतंकी फिरोजपुर से हथियार व विस्फोटक लेकर तेलंगाना जा रहे थे। करनाल के एसपी गंगाराम पूनिया ने बताया कि आईबी की सूचना के बाद इनको पकड़ने के लिए पंजाब और हरियाणा पुलिस ने ज्वाइंट ऑपरेशन चलाया था। मुख्य मार्ग पर नाकाबंदी के दौरान गुरुवार सुबह करीब चार बजे बसताड़ा टोल प्लाजा के पास एक इनोवा गाड़ी में सवार चार युवकों को पकड़ा गया। इसमें से तीन फिरोजपुर और एक लुधियाना का रहने वाला है। पकड़े गए युवकों के नाम गुरप्रीत, अमनदीप, परमिंदर, भुपिंदर है। इन सभी के पास से एक पिस्टल, करीब ढाई दर्जन कारतूस तथा तीन कंटेनरों में ढाई-ढाई किलो विस्फोटक बरामद किया गया है। पूनिया ने बताया कि अभी तक हुई जांच में सामने आया है कि इन युवकों का मुख्य हैंडलर हरविंदर सिंह उर्फ़ रिंडा पाकिस्तान में बैठा है। इनसे पूछताछ में पता चला कि बरामद हथियार और विस्फोटक खालिस्तानी आतंकी रिंडा ने ड्रोन के जरिए पाकिस्तान से फिरोजपुर में भेजे थे। इसके बाद पकड़े गए युवकों को मोबाइल के जरिए एक लोकेशन भेजी गई। पूनिया ने बताया कि यह हथियार और विस्फोटक कहां लेकर जाना था, इस बारे में पकड़े गए युवकों को भी नहीं पता था क्योंकि वह मोबाइल पर भेजी गई लोकेशन के आधार पर चल रहे थे। जांच में यह भी पता चला है कि यह युवक पहले भी विस्फोटकों को एक से दूसरे स्थान पर पहुंचाने का काम कर चुके हैं। बरामद विस्फोटक लोकेशन के आधार पर तेलंगाना सीमा पर स्थित एक कस्बे तथा महाराष्ट्र के नांदेड़ साहिब पहुंचाया जाना था। उन्होंने बताया कि बम निरोधक दस्ते ने विस्फोटक को नष्ट कर दिया है। यह विस्फोटक आरडीएक्स हो सकता है जिसकी जांच एफएसएल टीमें कर रही हैं। पूनिया ने बताया कि ज्यादा विस्फोटक होने की आशंका पर संदिग्धों की गाड़ी की तलाशी रोबोट की मदद से ली गई। उनके मुताबिक बरामद हथियार और विस्फोटक से कई जगहों पर बड़ी वारदातों को अंजाम दिया जा सकता था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 May 2022

jhasi,protector becomes eater

झांसी। रक्षा करने वाली पुलिस ही भक्षक बन जाए तो सोचिए कि हम किस दिशा में जा रहे हैं। ऐसे लोगों को सरकार कब टर्मिनेट करेगी। ललितपुर की थाने में घटी घटना शांत भी नहीं हुई और एक महिला के साथ दुर्व्यवहार का मामला सामने आ गया। अपराध के मामलों में सर्वाधिक नोटिस यूपी को मिल रहे हैं। वह तो दबाव बन गया समाजवादी निकल पड़े। गोरखपुर में व्यापारी की मौत को ही देख लीजिए, चाहे दो बहनों को पीटने का मामला ले लीजिए। आखिर उप्र की पुलिस को अधिकार किसने दिए। चाहे जहां बुलडोजर चला देते हैं। बीजेपी के लोग कुछ भी करें तो कुछ नहीं। एक जाति का नाम आए तो बुलडोजर निकल पड़ते हैं। यह कहना है सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का। वह बीती शाम ललितपुर में पीड़िता से मिलने के बाद झांसी में रात्रि विश्राम के बाद एक स्थानीय पत्रकारों से मुखातिब हो रहे थे। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि आजकल चैनल मोदी के इशारे पर चल रहे हैं। सपा सरकार में ही यूपी में बिजली कारखाने लगाए, उनको पूरा नहीं किया गया। झांसी में पैरामेडिकल बनाया, बजट के अभाव में खाली पड़ा है। बिजली मंहगी है, डीजल महंगा और बैंक लोन भी मंहगा है। अर्थ व्यवस्था चौपट, लाउड स्पीकर वाली बात इसलिए करते हैं क्योंकि इन्हें बेरजगारी और महंगाई का जवाब न देना पड़े। यदि विदेश से फाइटर आ जायेंगे तो बुंदेलखंड में जो फैक्ट्री लगाई है उससे कौन लेगा एयरक्राफ्ट। उप्र पहला प्रदेश जहां अन्ना पशुओं से हो रही दुर्घटना उन्होंने पूछा कि आज कितने लोगों को नौकरी मिली है। बिजली, सरिया, पानी, सीमेंट सब मंहगा हो गया है। अब तो रिज़र्व बैंक ने भी अजब फैसला ले लिया है। अब लाउडस्पीकर उतार रहे हैं। वोट तो मस्जिद से लाउडस्पीकर उतारने पर लिए थे। अब सेक्यूलर हो गए हैं। सपा ने राठ से पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया था। उसे बंद कर दिया। महंगाई चरम पर है। आज भी समस्या गिनाते हैं। हमने तो समाधान के लिए भारी बहुमत से आपको चुना था। कल ललितपुर गया था सभी जगह अन्ना जानवर मिले। उप्र पहला प्रदेश जहां अन्ना जानवरों से दुर्घटना हो रहीं हैं।   मंत्रियों के कथन पर कसा तंज भाजपा के एक मंत्री कहते हैं पूरा पैसा डकार जाते हो तो दूसरे अस्पतालों में जाकर कहते हैं मैं शर्मिंदा हूं। अरे भाई उन्हें मुख्यमंत्री के पास जाना चाहिए 5 कालीदास मार्ग और और उनसे कहना चाहिए कि मुझे आप पर शर्म आती है। चाचा व चचा के सवाल पर कहा कि समाजवादी पार्टी उनके साथ खड़ी है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि अन्ना पशुओं का समाधान उनको करना चाहिए। कैसी सरकार है न्यायालय के स्टे को भी नहीं मानते ये। थाने अराजकता व वसूली का केन्द्र बने हुए हैं। कुछ लोगों को स्वभाव के अनुसार मिल जाते हैं मंत्रालय मुख्यमंत्री जी अभी अपनी मां से मिलने गए थे। मैं उस पर कुछ नहीं कहूंगा। ये जरूर कहूंगा कि यहां वह आएं तो उस पीड़िता की मां से भी जरूर मिलें और उनका 50 लाख की धनराशि से सहयोग करें। आबकारी मंत्री द्वारा अखिलेश की तुलना राहुल गांधी से करने के जवाब में उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को उनके स्वभाव के अनुसार मंत्रालय मिल जाता है। हालांकि मुझे यह नहीं कहना चाहिए।   अपने जवाब में फंसे अखिलेश उन्होंने भाजपा को सेक्यूलर बताते हुए कहा कि इन्होंने वोट मस्जिद के लाउडस्पीकर उतारने को लेकर लिए थे। अब मंदिर के लाउडस्पीकर उतारकर वाहवाही लूटने में जुट गए हैं। मंदिरों से लाउडस्पीकर उतारने के हिन्दुस्थान समाचार के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मंदिर से लाउडस्पीकर उतारना गलत नहीं है। हम तो चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट के नियमों का पालन किया जाए। पकौड़े सरसों के तेल में तलें मिलावट से बचें हालांकि पाम आयल की फैक्ट्रियों के वापस चले जाने के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा की पकौड़े सरसों के तेल में ही अच्छे लगते हैं। मिलावट से बचें और स्वस्थ रहें। इस प्रकार उन्होंने भाजपा का समर्थन भी किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 May 2022

mumbai, Rana couple ,got bail

मुंबई। राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार राणा दंपति को बुधवार को सत्र न्यायालय से जमानत मिल गई। सांसद नवनीत राणा और विधायक रवि राणा को मुंबई सत्र न्यायालय ने शर्तों के साथ जमानत दी है। उन पर इस केस को लेकर मीडिया से बात नहीं करने, दोबारा इस तरह का अपराध नहीं करने और साक्ष्यों के साथ छेड़छाड़ नहीं करने की शर्त लगाई गई है। अमरावती सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को सत्र न्यायालय ने सशर्त जमानत दी, जिसके बाद उन्हें जेल से रिहा कर दिया गया। आज सुबह ही नवनीत राणा की जेल में तबीयत भी बिगड़ गई थी, जिसके बाद उन्हें जेजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। गत शनिवार को राणा दंपति की जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। विधायक रवि राणा के खिलाफ 17 और सांसद नवनीत राणा के खिलाफ 6 मामले दर्ज किए गए हैं। इसलिए राज्य सरकार ने राणा दंपति की जमानत का विरोध किया था। राणा दंपति की जमानत अर्जी पर बुधवार को फिर सुनवाई हुई। इस बार कोर्ट ने उन्हें सशर्त जमानत दे दी। सत्र न्यायालय ने मुंबई पुलिस के लिए भी आदेश जारी किया है। कोर्ट ने कहा है कि पुलिस को राणा दंपति को पूछताछ के लिए बुलाने के लिए 24 घंटे पहले नोटिस देना होगा। इसके अलावा राणा दंपति को भी जांच में सहयोग करने के निर्देश दिए गए हैं। वर्तमान में राज्य में मस्जिदों, हिंदुत्व और हनुमान चालीसा पर लाउडस्पीकर बजने को ले कर राजनीति गर्म हो रही है। इसी तरह, अमरावती के सांसद नवनीत राणा ने कुछ दिन पहले घोषणा की थी कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के आवास मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ किया जाएगा। नवनीत राणा के ऐलान के बाद शिवसैनिक पूरे राज्य में हमलावर नजर आए। राणा दंपति मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने मुंबई पहुंचे। उधर, राणा के इस ऐलान के बाद शिवसेना समर्थक काफी नाराज हो गए और उन्होंने मुंबई के खार में स्थित राणा के घर के बाहर धरना दिया। साथ ही मातोश्री के बाहर दो दिनों तक शिवसैनिकों ने राणा दंपति के खिलाफ धरना दिया था। तीन दिनों तक हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा, जिसके बाद राणा दंपति ने एक वीडियो जारी कर कहा कि वे मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने नहीं जाएंगे, क्योंकि प्रधानमंत्री आखिरकार मुंबई आ रहे हैं। इसके बावजूद राणा दंपति की मुश्किलें बढ़ गईं। पुलिस ने सांसद नवनीत राणा और उनके पति विधायक रवि राणा को गिरफ्तार कर लिया। रविवार को उन्हे कोर्ट में पेश किया गया। अदालत ने उसे 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था। राणा दंपति ने तब जमानत अर्जी दाखिल की थी। इसके बाद कई दौर की सुनवाई हुई। राणा दंपति की जमानत अर्जी का सरकार ने कड़ा विरोध किया। आखिरकार आज उन्हें जमानत मिल गई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 May 2022

new delhi, India , get third S-400 missile, defense system

नई दिल्ली। यूक्रेन से युद्ध के बीच रूस भारतीय वायु सेना को अत्याधुनिक एस-400 मिसाइल डिफेन्स सिस्टम की तीसरी खेप अगले महीने देने जा रहा है। रूस ने यूक्रेन संघर्ष के बीच पिछले माह एस-400 की दूसरी खेप देकर भारतीय सैन्य शक्ति में इजाफा किया था। दिसंबर में रूस से मिला पहला मिसाइल डिफेन्स सिस्टम पंजाब सेक्टर में तैनात किया गया है। भारत के रक्षा बेड़े में शामिल हो रहे इस रूसी मिसाइल डिफेन्स सिस्टम से पूरी दुनिया खौफ खाती है। चीन और पाकिस्तान के लिए बुरी खबर है क्योंकि अगले माह रूस से अत्याधुनिक एस-400 मिसाइल डिफेन्स सिस्टम की तीसरी खेप भारत को मिलने वाली है। सतह से हवा में लंबी दूरी तक मार करने वाले इस मिसाइल डिफेंस सिस्टम की भारत को आपूर्ति होने से चीन और पाकिस्तान की धड़कनें तेज होना लाजिमी है। भारतीय वायुसेना के 8 सदस्यों की एक टीम रूस में एस-400 का प्रशिक्षण ले चुकी है और भारत आकर अन्य कर्मियों के लिए एस-400 प्रणाली पर प्रशिक्षण पाठ्यक्रम शुरू कर दिया है। हर फ्लाइट में आठ लॉन्चर हैं और हर लॉन्चर में दो मिसाइल हैं। चीन और पाकिस्तान के खतरे को देखते हुए भारत को रूस में बने इस ताकतवर एयर डिफेंस सिस्टम एस-400 की बहुत जरूरत थी। भारत ने रूस के साथ पांच एयर डिफेंस सिस्टम एस-400 खरीदने के लिए 5.43 बिलियन डॉलर यानी 40 हजार करोड़ रुपये में सौदे किया था जिसे रूस और भारत के रक्षा मंत्रियों ने 06 दिसम्बर को अंतिम रूप दिया था। भारतीय वायुसेना को एस-400 'ट्रायम्फ' मिसाइल की कुल पांच रेजीमेंट (फ्लाइट) अक्टूबर, 2023 तक मिलनी हैं। पिछले साल भारत यात्रा के दौरान राष्ट्रपति पुतिन ने जल्द से जल्द सभी यूनिट की आपूर्ति करने का भरोसा दिया था। इतना ही नहीं, पुतिन की यात्रा के दौरान ही एस-400 की पहली खेप दिसंबर, 2021 में भारत को मिली थी जिसे पंजाब सेक्टर में तैनात किया गया है। यहां से यह एयर डिफेंस सिस्टम पाकिस्तान और चीन दोनों के खतरों से निपट सकता है। इस बीच यूक्रेन से युद्ध शुरू हो जाने पर रूस से मिलने वाले एयर डिफेंस सिस्टम एस-400 की आपूर्ति पर संकट के बादल गहराने लगे थे लेकिन रूसी रक्षा मंत्रालय से भरोसा दिया गया कि भारत और रूस के रिश्ते पहले से ही ठीक हैं। आगे भी बेहतर रहेंगे, इसलिए 'मेक इन इंडिया' और 'आत्मनिर्भर भारत' के तहत स्वदेशी हथियारों के निर्माण में लगने वाले उपकरणों और हथियारों की आपूर्ति में कोई दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। यही वजह रही कि यूक्रेन से युद्ध के बीच रूस ने भारत को पिछले माह अप्रैल में डिफेंस सिस्टम एस-400 की दूरी खेप आपूर्ति की और अब वायु सेना को अगले महीने रूस से तीसरा एस-400 स्क्वाड्रन हासिल होने वाला है। यह मिसाइल सिस्टम एक साथ मल्टी टारगेट को निशाना बनाकर दुश्मन के लड़ाकू विमान, हेलीकॉप्टर और यूएवी को नष्ट कर सकते हैं। इस मिसाइल सिस्टम की दूरी करीब 400 किलोमीटर है। यानी अगर दुश्मन की मिसाइल किसी विमान या संस्थान पर हमले करने की कोशिश करेगी तो यह मिसाइल सिस्टम 400 किमी. दूर से ही नेस्तनाबूत करने में सक्षम है। यह एंटी-बैलिस्टक मिसाइल आवाज की गति से भी तेज रफ्तार से हमला बोल सकती है। सतह से हवा में मार करने वाली यह रूसी मिसाइल प्रणाली 400 किमी. तक की दूरी और 30 किमी. तक की ऊंचाई पर लक्ष्य को नष्ट करने में सक्षम है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 May 2022

podi,Yogi Adityanath, blessed nephew

पौड़ी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उत्तराखंड दौरे का आज दूसरा दिन है। बुधवार को भी वह अपने गांव पंचूर भतीजे अनंत के मुंडन संस्कार में शामिल हुए और गांव में ही प्रवास पर हैं। सुबह उन्होंने गांव में स्थानीय नागरिकों से मुलाकात का उनकी कुशल क्षेम पूछी। योगी आदित्यनाथ ने आज गांव की पगडंडियों का भ्रमण किया। इस दौरान वह ग्रामीणों से भी मिले। उन्होंने गांव के पुराने लोगों का नाम लेकर पुकारा। इस दौरान बच्चों में योगी आदित्यनाथ के साथ फोटो खिंचवाने की होड़ लगी रही। उन्होंने किसी को भी निराश नहीं किया। गांव भ्रमण के दौरान वह कई जगह रुके। उन्होंने अपनी बचपन की यादों को ताजा किया। योगी ने सभी से मुस्कुरा कर मुलाकात की और अभिवादन स्वीकार किया। भ्रमण के बाद योगी आदित्यनाथ अपने घर भतीजे अनंत के मुंडन संस्कार में सम्मिलित हुए।   मंगलवार रात को घर में सत्यनारायण की कथा और केस नूतन का संस्कार संपन्न हुआ। जबकि बुधवार को सुबह बान और मंगल स्नान की रस्म में योगी आदित्यनाथ शामिल हुए। उन्होंने भतीजे अनंत को तिलक और हल्दी लगाकर आशीष दिया। इस दौरान ग्रामीणों और महिलाओं ने नृत्य किया। योगी आदित्यनाथ ने नृत्य और संगीत का बैठकर आनंद लिया। इसके पश्चात योगी योग गुरु बाबा रामदेव के पोखरी स्थित वेदा लाइफ संस्थान पहुंचे। यहां से वे महागढ़ मंदिर में गए और वहां पूजा-अर्चना की। योगी आदित्यनाथ बुधवार को भी अपने घर पर ही रुकेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 May 2022

new delhi, PM attends ,India-Nordic summit

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को डेनमार्क में दूसरे भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में भाग लिया। सम्मेलन कोरोना के बाद आर्थिक रिकवरी, जलवायु परिवर्तन, नवीकरणीय ऊर्जा और क्षेत्रीय व अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा परिदृश्य पर केन्द्रित रहा। दूसरे भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में नॉर्डिक देशों के नेताओं – डेनमार्क की प्रधानमंत्री मेटे फेडरिक्सन, आइसलैंड की प्रधानमंत्री कैटरीन जैकोब्स्दोतिर, नॉर्वे के प्रधानमंत्री जोनास गहर स्टोर, स्वीडन की प्रधानमंत्री मैग्डेलेना एंडरसन और फिनलैंड की प्रधानमंत्री सना मारिन ने भाग लिया। इससे पूर्व प्रधानमंत्री ने चार नॉर्डिक देशों के नेताओं के साथ अलग से द्विपक्षीय वार्ता की। डेनमार्क की प्रधानमंत्री के साथ प्रधानमंत्री ने मंगलवार को द्विपक्षीय चर्चा की थी।   विदेश सचिव विनय मोहन क्वात्रा ने पत्रकारवार्ता में कहा कि दूसरे भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में चर्चा तीन विषयों कोविड के बाद बहुपक्षीय सहयोग, जलवायु व सतत विकास और नीली अर्थव्यवस्था तथा नवाचार पर केंद्रित रही। इसके अलावा स्वच्छ और हरित विकास समाधान, नॉर्डिक देशों में कौशल क्षमताओं को भारत की संभावनाओं से जोड़ने और नई अभिनव साझेदारी बनाने की आवश्यकता पर भी चर्चा हुई।   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत की विकास और आर्थिक विकास की यात्रा के पिछले 75 वर्षों में नॉर्डिक देशों की विश्वसनीय भागीदारी का सराहना की। उन्होंने कहा कि नॉर्डिक देश और भारत स्वतंत्रता, लोकतंत्रिक मूल्यों और नियम आधारित व्यवस्था और विभिन्न वैश्विक मामलों पर साझा दृष्टिकोण रखते है। उन्होंने कहा कि भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन इस क्षेत्र के साथ भारत के संबंधों को बढ़ावा देने में एक लंबा सफर तय करेगा। हमारे देश मिलकर बहुत कुछ हासिल कर सकते हैं और वैश्विक समृद्धि और सतत विकास में योगदान कर सकते हैं।   उल्लेखनीय है कि स्टॉकहोम में आयोजित शिखर सम्मेलन में 2018 में पहली बार भारत एक मंच पर समूह के रूप में नॉर्डिक देशों के साथ जुड़ा था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 May 2022

new delhi, PM Narendra Modi, participates, India-Denmark Business Forum

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संयुक्त रूप से डेनमार्क की प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिक्सन और डेनमार्क के क्राउन प्रिंस फ्रेडरिक के साथ मंगलवार को डेनमार्क उद्योग परिसंघ में भारत-डेनमार्क व्यापार मंच में भागीदारी की। प्रधानमंत्री मोदी ने दोनों अर्थव्यवस्थाओं के पूरक कौशल पर जोर दिया और डेनिश कंपनियों को हरित प्रौद्योगिकियों, कोल्ड चेन, कचरे से धन, शिपिंग और बंदरगाहों जैसे क्षेत्रों में भारत में उपलब्ध विशाल अवसरों का लाभ उठाने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने भारत के व्यापार अनुकूल दृष्टिकोण पर प्रकाश डाला और सहयोग के अवसरों का पता लगाने के लिए दोनों पक्षों के व्यापारिक समुदायों को प्रोत्साहित किया। दूसरी ओर डेनमार्क के प्रधानमंत्री फ्रेडरिकसन ने दोनों देशों के बीच एक समन्वय बनाने में व्यापारिक समुदायों की भूमिका पर प्रकाश डाला। दोनों ओर से हरित प्रौद्योगिकी, नवाचार और डिजिटलीकरण, ऊर्जा स्वतंत्रता और नवीकरणीय ऊर्जा, जल, पर्यावरण और कृषि, बुनियादी ढांचा, परिवहन और सेवाएं क्षेत्र से जुड़े दोनों देशों के व्यापार जगत ने भागीदारी की। इसमें दोनों देशों के व्यापार जगत की हस्तियों ने भागीदारी की।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 May 2022

podi, Yogi will come, native village, Panchur today

पौड़ी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज उत्तराखंड के दौरे पर हैं। वे अपने पैतृक गांव पंचूर जाएंगे। योगी वहां पर एक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। उनके साथ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री भी होंगे। इसके लिए उत्तराखंड शासन की ओर से सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। इसके मद्देनजर देव भूमि प्रदेश के यम्केश्वर तहसील स्थित पंचूर गांव में प्रशासन की ओर से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। उनके पैतृक आवास को बहुत अच्छी तरीके से सजाया गया है। साथ ही सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। मुख्यमंत्री योगी अपने सबसे छोटे भाई के बेटे के मुंडन संस्कार में भी शिरकत करेंगे। योगी आदित्यनाथ के मामा कीर्ति सिंह नेगी ने बताया कि उन्हें बेहद खुशी है कि उनका भांजा परिवार के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए गांव पहुंच रहे हैं। योगी के वहां आने को लेकर पूरे गांव में बहुत ही उत्साह का माहौल है। पौड़ी जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार जोगदंडे ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के यमकेश्वर दौरे के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस दौरान पूरे क्षेत्र को हाई अलर्ट मोड में रखा गया है। साथ ही जिस मार्ग से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का काफिला गुजरेगा, उस मार्ग के 100 मीटर के दायरे में कोई भी वाहन और व्यक्ति खड़ा नहीं हो सकेगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 May 2022

jaipur, Clashes between, two communities,jodhpur

जयपुर। जोधपुर के जालोरी गेट पर झंडा लगाने को लेकर दो समुदाय के बीच झड़प के बाद हुए तनाव को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लोगों से शान्ति बनाए रखने की अपील की है। उधर, मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास पर अपने जन्मदिन पर आम जनता से मुलाकात के सारे कार्यक्रमों को बीच में छोड़कर गहलोत सीएमओ पहुंच गए हैं और जोधपुर में लॉ एन्ड ऑर्डर की व्यवस्था को लेकर डीजीपी एवं वरिष्ठ अधिकारियों को आपात बैठक के लिए बुला लिया गया है। तनाव को देखते हुए शहर में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। जिला प्रशासन ने जोधपुर जिले में इंटरनेट सेवा सस्पेंड कर दिया है। मुख्यमंत्री गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि जोधपुर में दो समुदाय के बीच में कुछ शरारती तत्व और मिसक्रिएंट लोग तनाव पैदा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री स्वयं लगातार पूरी स्थिति की मॉनिटरिंग कर रहे हैं, जिला प्रशासन को निर्देश दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि जालौरी गेट, जोधपुर पर दो गुटों में झड़प से तनाव पैदा होना दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रशासन को हर कीमत पर शांति एवं व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। जोधपुर, मारवाड़ की प्रेम एवं भाईचारे की परंपरा का सम्मान करते हुए मैं सभी पक्षों से मार्मिक अपील करता हूं कि शांति बनाए रखें एवं कानून-व्यवस्था बनाने में सहयोग करें। मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि वे उन्हें जन्मदिन की शुभकामना के सन्देश भेज दें, कृपया मुख्यमंत्री निवास पर शुभकामना प्रेषित करने के लिए न पहुंचें। उधर, उपद्रवियों ने सूरसागर से भाजपा विधायक सूर्यकांता व्यास के घर के बाहर भी हंगामा किया। यहां दंगाइयों ने एक बाइक भी फूंक दी। विधायक के घर के बाहर माहौल बिगड़ता देख डीसीपी वेस्ट भुवन भूषण यादव यहां पहुंचे और उपद्रवियों को यहां से खदेड़ा। पूरे क्षेत्र को पुलिस ने छावनी में तब्दील कर दिया है। उल्लेखनीय है कि जोधपुर में जालोरी गेट पर झंडा लगाने को लेकर देर रात दो समुदाय के बीच झड़प के बाद तनाव पैदा हो गया था। जालोरी गेट चौराहे पर सोमवार देर रात करीब 11.30 बजे कुछ लोग झंडे लगा रहे थे। इस दौरान वीडियो बनाते एक शख्स को कुछ युवकों ने पीट दिया। कुछ लोग बीच-बचाव करने आए तो उन्हें भी पीटा। इसके बाद दूसरे गुट ने सामने वाले गुट पर पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। पत्थरबाजी में डीसीपी ईस्ट और उदयमंदिर एसएचओ घायल हो गए। रात को जैसे तैसे विवाद शांत हुआ, लेकिन मंगलवार की सुबह मामला फिर भड़क उठा। सुबह दोबारा भीड़ जुट गई। पत्थरबाजी और आगजनी शुरू हो गई। पुलिस ने उपद्रवियों पर लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़ लोगों को खदेड़ा। तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। जिला प्रशासन ने जोधपुर जिले में इंटरनेट सेवा सस्पेंड कर दिया है। स्थिति बिगड़ती देख जयपुर से अधिकारियों को जोधपुर भेजा गया है। पत्थरबाजी से कल रात तीन और आज एक और पुलिसकर्मी घायल हो गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 May 2022

kaasganj, Bolero and auto collide , Mainpuri-Badayun highway

कासगंज। उत्तर प्रदेश में कासगंज जिले के पटियाली क्षेत्र में मैनपुरी-बदायूं हाईवे पर मंगलवार को बोलेरो एवं ऑटो की भिड़ंत हो गयी। इस हादसे में महिला, बच्चों सहित आठ लोगों की मौके पर मौत हुई है। 11 घायलों को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिला प्रशासन मुस्तैदी बनाए हुए हैं। बदायूं-मैनपुरी हाईवे पर पटियाली क्षेत्र के ग्राम अशोकपुर के निकट मंगलवार को हुए बोलेरो कार और ऑटो की भिड़ंत हो गई। ऑटो में सवार श्रद्धालु भोले बाबा के सत्संग में शामिल होकर वापस घर जा रहे थे। इस हादसे में सात लोगों की मौके पर आठ लोगों की मौत हो गई, जबकि 11 लोग घायल हैं। सभी लोग पड़ोसी जनपद फर्रुखाबाद के रहने वाले बताये जा रहे हैं। इनकी हुई मौत मार्ग दुर्घटना में मरने वालों की शिनाख्त पुलिस की काफी देर बाद कर सकी है। मृतकों में जनपद फर्रुखाबाद के थाना कायमगंज के ग्राम घसिया चिलौली निवासी नंदकिशोर शर्मा की पत्नी रूपरानी (50), विमेलश का पुत्र गोपी (09), सुनीता शर्मा (38),नीरज देवी (48), मंजू शर्मा (45),मीना देवी (45),आटो चालक सरनाम सिंह और औरैया जिले के विधूना निवासी सात वर्षीय आरोही है। 11 लोग हुए घायल हादसे में 11 लोग घायल हुए हैं। इनमें फर्रुखाबाद के थाना राजेपुर क्षेत्र निवासी धीरेंद्र ठाकुर पुत्र जसवंत, थाना कमालगंज के ग्राम नसरतपुर निवासी अमित पुत्र रामदास, ग्राम घसिया चिरौली निवासी सुषमा पत्नी मंजीत, आराध्या पुत्री मंजीत उम्र 4 वर्ष, आस्था पुत्री मंजीत उम्र 4 माह, दीपिका पत्नी अमित, मंजीत पुत्र सुरजीत, सुरजीत पुत्र राजबहादुर, श्रीदेवी पत्नी सुरजीत, कमलेश पत्नी राजीव शर्मा इनके अलावा एक महिला भी घायल है। इनमें से दो की हालत गंभीर देखते हुए उन्हें अलीगढ़ रेफर किया गया है। बोली अधिकारी घटना के संबंध में जानकारी देते हुए डीएम हर्षिता माथुर एवं एसपी बोत्रे रोहन प्रमोद ने संयुक्त रूप से बताया है कि श्रद्धालु पटियाली स्थित भोले बाबा के सत्संग से वापस अपने गृह जनपद फर्रुखाबाद जा रहे थे, तभी यह हादसा हुआ है। फिलहाल सभी घायलों को बेहत उपचार मुहैया कराया जा रहा है। घटना की जानकारी मृतकों के परिवार को पहुंचा दी गई है। सभी परिवार आने के बाद शवों का पोस्टमार्टम कराया जायेगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 May 2022

uttarkashi, Gangotri-Yamunotri Dham ,Akshaya Tritiya

उत्तरकाशी। उत्तराखंड के विश्व प्रसिद्ध पतित पावनी मां गंगा और यमुनोत्री के कपाट अक्षय तृतीया के मौके पर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिये गये हैं। मंगलवार को सवा आठ बजे मां गंगा की डोली गंगोत्री धाम पहुंची। पूजा-अर्चना के बाद ठीक 11.15 बजे अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर वैदिक मंत्रोच्चार के साथ गंगोत्री धाम के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिये गया।   गंगोत्री धाम के कपाट उद्घाटन के अवसर पर प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी गंगोत्री धाम पहुंच कर मां गंगा का आशीर्वाद लेकर प्रदेश की खुशहाली की कामना की। उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा है कि चार धाम यात्रा को सरल सुगम बनाया जाए। उन्होंने श्रद्धालुओं की संख्या तय करने पर कहा कि ऐसा कुछ नहीं है। श्रद्धालुओं को नहीं रोका जायेगा, यदि अधिक संख्या में श्रद्धालु आते हैं तो देखा जायेगा। इस दौरान गंगोत्री क्षेत्र के विधायक सुरेश चौहान, पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार, प्रमुख भटवाड़ी बिनीता रावत, नगरपालिका अध्यक्ष रमेश सेमवाल, मुरारी लाल भट्ट,यजिलाधिकारी अभिषेक रूहेला, पुलिस अधीक्षक अर्पण यदुवंशी, विजय बहादुर सिंह रावत, किशोर भट्ट, प्रदीप भट्ट, गंगोत्री मंदिर समिति के अध्यक्ष हरीश सेमवाल, सचिव सुरेश सेमवाल, राजेश सेमवाल, रावल रवींद्र सेमवाल, अशोक सेमवाल, बागेश्वर सेमवाल, जगनमोहन रावत,आदि हजारों श्रद्धालु मौजूद रहे हैं। उधर, यमुनोत्री में मां यमुना की डोली अपने भाई शनि महाराज के साथ यमुनोत्री धाम पहुंची जहां 12.15 बजे मां यमुना के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 May 2022

new delhi, Rahul Gandhi , trip to Nepal, Surjewala

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नेपाल से जुड़े एक निजी दौरे के दौरान काठमांडू के मशहूर नाइट क्लब में शामिल होने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कांग्रेस और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष पर हमलावर हो गई है। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इस पर स्पष्टीकरण दिया है। सुरजेवाला ने मंगलवार को एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि राहुल गांधी अपनी पत्रकार मित्र के विवाह समारोह में शामिल होने नेपाल गए हैं। उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति के तौर पर परिवार और मित्र होना और उनके शादी समारोह में शामिल होना हमारी संस्कृति और सभ्यता का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि वे प्रधानमंत्री मोदी की तरह बिन बुलाए नवाज शरीफ का केक काटने नही गए हैं। राहुल एक निजी शादी समारोह में भाग लेने गए हैं। आजतक देश में परिवार और मित्र के शादी समारोह में जाना अपराध नहीं माना जाता रहा है। उल्लेखनीय है कि नेपाली अखबार 'द काठमांडू पोस्ट' के अनुसार राहुल गांधी नेपाल में वह अपनी दोस्त सीएनएन की पूर्व संवाददाता सुम्निमा उदास के विवाह में शामिल होने के लिए काठमांडू आए हैं। सुम्निमा के पिता भीम उदास ने द काठमांडू पोस्ट को दिए बयान में कहा उन्होंने राहुल गांधी को अपनी बेटी की शादी में शामिल होने का न्योता दिया था। भीम उदास म्यांमार में नेपाल के राजदूत रहे हैं। उनकी बेटी सुम्निमा सीएनएन की पूर्व संवाददाता रही हैं। दूसरी ओर भाजपा के प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा कि कांग्रेस पार्टी खत्म हो गई है लेकिन राहुल गांधी की पार्टी यूं ही चलेगी। वह गंभीर राजनीति नहीं करते हैं। तृणमूल कांग्रेस की नेत्री महुआ मित्रा का कहना है कि राहुल गांधी किसी पब में जाते हैं या किसी विवाह समारोह में शामिल होते हैं यह उनका निजी मसला है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 May 2022

new delhi, Jahangirpuri Violence, Two more accused arrested

नई दिल्ली। उत्तर पश्चिमी जिले के जहांगीरपुरी हिंसा मामले में अपराध शाखा ने दो और आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इन दोनों आरोपितों की गिरफ्तारी के साथ जहांगीरपुरी हिंसा मामले में गिरफ्तार लोगों की संख्या 31 पहुंच गई है। पकड़े गए आरोपितों ने हिंसा से पहले जहांगीरपुरी में लोगों को भड़काते हुए तलवारें बांटी थीं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, पकड़े गए आरोपितों की पहचान यूनुस और सलीम के रूप में हुई है। यूनुस सोनू और सलीम चिकना का भाई है। वहीं जहांगीरपुरी हिंसा को अब करीब 20 दिन होने वाले हैं। जहांगीरपुरी में भी माहौल भी धीरे-धीरे सामान्य हो रहा है। पुलिस लगातार गिरफ्तारी कर रही है। पुलिस के अनुसार, दोनों आरोपित जहांगीरपुरी के रहने वाले हैं। इन पर आरोप है कि इन्होंने हिंसा से पहले लोगों को तलवार बांटी थी, जिससे मामला बड़ा हो सके और हिंसक रूप ले सके। पुलिस ने यूनुस को रविवार को जहांगीरपुरी से गिरफ्तार किया था, जबकि सलीम को आज जहांगीरपुरी से ही गिरफ्तार किया है। फिलहाल पुलिस की पूछताछ लगातार जारी है और अभी कुछ अन्य लोगों की भी गिरफ्तारी की जा सकती है। करीब 20 के मोबाइल फोन बंद हालांकि इन संदिग्धों में से करीब 20 के मोबाइल फोन घटना के बाद से ही बंद आ रहे हैं और ये अपने-अपने घरों से फरार भी हैं। इतना ही नहीं इनके संभावित ठिकानों पर छापेमारी करने पर भी इनका कोई सुराग नहीं मिल रहा है। वहीं अबतक की जांच के आधार पर पुलिस ने 50 ऐसे संदिग्ध नंबरों की भी पहचान की है, जिससे घटना के कई राज खुल सकते हैं। ये नंबर अबतक गिरफ्तार किए गए आरोपियों के नेटवर्क से ही जुड़े बताए जा रहे हैं। इसमें भी खासतौर पर इस मामले के तीन मुख्य तीनो आरोपियों के नेटवर्क से जुड़े बताए गए हैं। 40 जगहों पर ताबड़तोड़ छापेमारी सूत्रों के मुताबिक जहांगीरपुरी हिंसा से जुड़े वीडियो, फोटो, सीसीटीवी फुटेज और लोकल इनपुट और संदिग्धों से पूछताछ के आधार में क्राइम ब्रांच अबतक इन संदिग्धों के खिलफ सुराग एकत्र करने के लिए दिल्ली, यूपी, हरियाणा से लेकर पश्चिम बंगाल तक करीब 40 जगहों पर ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है। दरअसल जांच के दौरान यह पता चला है कि शोभा यात्रा पर पथराव शुरू हुआ और हिंसा की घटनाएं हुईं तो उस समय मौके पर ये संदिग्ध मौजूद थे और इन्होंने हिंसा में भूमिका निभाई थी। ईडी ने भी शुरू की मनी ट्रेल की जांच उधर दिल्ली पुलिस कमिश्नर द्वारा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को जांच के लिए पत्र लिखे जाने के बाद मामला दर्ज कर जांच आरंभ कर दी गई है। ईडी मुख्य आरोपी अंसार के खिलाफ धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत कार्रवाई कर रही है। यह जांच की जा रही है कि अंसार के पास हिंसा के लिए कहीं से फंडिंग तो नहीं आई? अगर आई तो उसका श्रोत क्या था ? और रकम आई तो उसने इसका क्या इस्तेमाल किया? इस पूरे मनी ट्रेल (रकम जाने-जाने के पूरे रूट) की जांच कर रही है। दरअसल, दिल्ली पुलिस कमिनर राकेश अस्थाना ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को पत्र लिखकर जहांगीरपुरी हिंसा मामले के मुख्य आरोपी अंसार के खिलाफ धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई करने को कहा था   अबतक क्या हुई कार्रवाई   मामले की जांच में जुटी पुलिस अबतक 31 आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि तीन नाबालिगों को बाल सुधार गृह भेजा गया है। वहीं करीब 300 वीडियो फुटेज की जांच कर चुकी है, जबकि 50 की पहचान कर चुकी है। इसमें से कई को तो दबोचा जा चुका है, जबकि कई की तलाश में छापेमारी की जा रही है। पुलिस ने वीडियो फुटेज के जरिये चिन्हित किए गए संदिग्धों की उनके मोबाइल फोन के लोकशन के आधार पर भी उनकी उपस्थिति घटनास्थल के आसपास होने की जानकारी भी जुटा चुकी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 May 2022

new delhi, PM Modi ,holds bilateral meeting,German Chancellor Scholz

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज़ के साथ द्विपक्षीय बैठक की। यह बैठक भारत और जर्मनी के बीच द्विवार्षिक अंतर सरकारी परामर्श (आईजीसी) के छठे दौर से पहले आयोजित की गई थी। विदेश मंत्रालय के अनुसार प्रधानमंत्री को औपचारिक गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया और संघीय चांसलरी में चांसलर स्कोल्ज़ ने उनका स्वागत किया। इसके बाद दोनों नेताओं ने आमने-सामने के प्रारूप में मुलाकात की, जिसके बाद प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई।   चर्चाओं में समग्र रणनीतिक साझेदारी के साथ-साथ क्षेत्रीय और वैश्विक विकास के तहत द्विपक्षीय सहयोग के प्रमुख क्षेत्रों को शामिल किया गया।   उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को अपनी तीन दिवसीय यूरोप यात्रा के पहले पड़ाव बर्लिन पहुंचे। यहां उनका भारतीय समुदाय ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। प्रधानमंत्री और जर्मन चांसलर भारत-जर्मनी अंतर-सरकारी परामर्श (आईजीसी) के छठे संस्करण की सह-अध्यक्षता भी करेंगे। अपनी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री और चांसलर स्कोल्ज़ संयुक्त रूप से एक बिजनेस कार्यक्रम को भी संबोधित करेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 May 2022

mumbai, Decision on bail , Rana couple , Wednesday

मुंबई। सांसद नवनीत राणा और विधायक रवि राणा की जमानत याचिका पर फैसला मुंबई की सेशन कोर्ट ने बुधवार तक टाल दिया। राणा दम्पति ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पैतृक निवास मातोश्री के सामने हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान किया था। आरोप है कि राणा दम्पति ने ये ऐलान इसलिए किया ताकि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को हिंदुत्व की याद दिला सके। इसके बाद राणा दम्पति पर दो समुदायों के बीच नफरत पैदा करने जैसे कई आरोप लगाकर जेल भेज दिया गया। सांसद नवनीत राणा फिलहाल भायखला स्थित महिला जेल में बंद हैं वही उनके विधायक पति को नवी मुंबई स्थित तलोजा जेल में रखा गया है। राणा दम्पति पर आईपीसी की धारा 15A और 353 के साथ-साथ बॉम्बे पुलिस एक्ट की धारा 135 के तहत एफआईआर दर्ज है। सबसे बड़ी धारा 124 ए (राजद्रोह) की धारा भी लगाई गई है। राणा दम्पति की ओर से कोर्ट में पेश हुए वरिष्ठ वकील अबद पोंडा और रिजवान मर्चेंट ने कोर्ट में पुलिस के दावों के खिलाफ दलील रखी कि उनके क्लाइंट की नफरत फैलाने की कोई मंशा नहीं थी। उन्होंने कहा कि हर नागरिक को शांतिप्रिय ढंग से सरकार के खिलाफ आवाज उठाने का अधिकार है। हनुमान चालीसा पढ़ने से हिंसा भड़कने की कोई उम्मीद ही नहीं थी। पुलिस शिकायत का जिक्र करते हुए बचाव पक्ष ने कहा कि उनके पक्षकार मातोश्री के सामने बिना अपने समर्थकों के साथ अकेले ही हनुमान चालीसा पढ़ना चाहते थे। सरकार के खिलाफ हिंसा भड़काने की बात उनके सपनों में भी कभी नहीं आई। वहीं जमानत का विरोध कर रही पुलिस की तरफ से दलील दी गई कि राणा दम्पति ने धर्म के नाम पर हिंसा भड़काने की कोशिश की। फिलहाल राणा दम्पति को सोमवार को बेल मिलेगी। ऐसी उम्मीद जताई जा रही थी लेकिन अब अदालत ने इस मामले की सुनवाई 4 मई तक टाल दी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 May 2022

chandigarh, Relief to Kumar Vishwas,Punjab-Haryana High Court

चंडीगढ़। पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट ने कवि कुमार विश्वास की गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए राहत प्रदान की है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ टिप्पणी किए जाने के बाद आप नेता की शिकायत के आधार पर रूपनगर के थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। रूपनगर पुलिस ने 27 अप्रैल को कुमार विश्वास को पेश होने के लिए बुलाया था लेकिन वह पुलिस के समक्ष पेश होने की बजाए हाईकोर्ट में चले गए। हाईकोर्ट ने सोमवार को इस मामले की सुनवाई करते हुए कुमार विश्वास की गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए पंजाब सरकार को नोटिस जारी कर दिया है। पंजाब सरकार अब कुमार विश्वास के खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर को लेकर अपनी रिपोर्ट देगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 May 2022

kolkata, SpiceJet plane , Durgapur airport

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में स्थित काजी नज़रुल इस्लाम एयरपोर्ट पर काल बैसाखी तूफान में फंसने की वजह से स्पाइसजेट के एक विमान की क्रैश लैंडिंग हुई है। इसमें सवार कम से कम 40 यात्रियों को चोटें आई हैं। इनमें से 10 की हालत गंभीर बताई जा रही है। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के सूत्रों ने बताया है कि मुंबई से दुर्गापुर आने वाली स्पाइसजेट की नियमित बोइंग फ्लाइट एसजी-945 रविवार रात अचानक लैंडिंग से पहले तेज आंधी तूफान में फंस गई। इसकी वजह से विमान के केबिन में रखे गए सामान अचानक गिरने लगे और विमान भी बहुत तेजी के साथ झटके लेने लगा। इस वजह से यात्रियों में काफी दहशत का माहौल बन गया। तभी पायलट ने आपातकाल की घोषणा करके सभी यात्रियों से ऑक्सीजन मॉस्क लगाने की गुजारिश की। इस बीच सामान गिरने और फ्लाइट के लड़खड़ाने की वजह से 40 यात्रियों को चोटें आईं जिनमें से 10 की हालत गंभीर बताई जा रही है। इन्हें स्थानीय अस्पताल में भर्ती किया गया है। विमान में क्रू मेंबर्स सहित 185 लोग सवार थे जिनमें से अधिकतर की हालत ठीक है। चालक ने सूझबूझ से विमान की लैंडिंग रनवे से इतर कराई गई जिसकी वजह से बड़ा हादसा होते-होते बचा है। एयरपोर्ट अथॉरिटी सूत्रों ने बताया है कि दुर्घटना कैसे हुई इसकी जांच की जाएगी। फिलहाल तूफान में फंसने की वजह से घटना होने की आशंका है। अगर इसके पीछे कोई तकनीकी या ह्यूमन एरर नजर आता है तो इसकी भी जांच होगी। घटना के बाद चेन्नई से दुर्गापुर आ रही एक अन्य फ्लाइट को खराब मौसम की वजह से बनारस हवाई अड्डे पर ही रोक कर इंतजार करने को कहा गया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 May 2022

new delhi,Indian community, warmly welcomed ,Prime Minister Modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सोमवार को अपनी तीन दिवसीय यूरोप यात्रा के पहले पड़ाव में बर्लिन पहुंचे, जहां भारतीय समुदाय ने गर्मजोशी के साथ उनका स्वागत किया। प्रधानमंत्री ने भारतीय समुदाय का हाथ जोड़कर स्वागत स्वीकार किया। इस दौरान एक भारतीय मूल के बालक ने प्रधानमंत्री को देश भक्ति गीत सुनाया जिसकी उन्होंने प्रशंसा की। वहीं एक भारतीय मूल की बालिका ने प्रधानमंत्री को भेंट स्वरूप उनकी पेंटिंग सौंपी।   प्रधानमंत्री ने अपने जर्मनी आगमन को लेकर ट्वीट कर जानकारी दी है। उन्होंने लिखा कि बर्लिन में अभी सुबह का समय है, लेकिन भारतीय समुदाय के कई लोग वहां पहुंचे हैं। उनसे बात करना अद्भुत रहा। हमारे डायस्पोरा ने जो हासिल किया है उस पर भारत को गर्व है।   एक अन्य ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा, “बर्लिन में उतरना हुआ है। आज मैं चांसलर ओलाफ स्कोल्ज़ से बात करूंगा। व्यापारिक नेताओं के साथ बातचीत और एक सामुदायिक कार्यक्रम को संबोधित करना है। मुझे विश्वास है कि यह यात्रा भारत और जर्मनी के बीच मित्रता को बढ़ावा देगी।”   विदेश मंत्रालय के अनुसार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज बर्लिन में जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज़ के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। दोनों नेता भारत-जर्मनी अंतर-सरकारी परामर्श (आईजीसी) के छठे संस्करण की सह-अध्यक्षता भी करेंगे। अपनी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री और चांसलर स्कोल्ज़ संयुक्त रूप से एक बिजनेस कार्यक्रम को भी संबोधित करेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 May 2022

badgaon, Security forces, arrested a terrorist

बड़गाम। जिले के नौगाम इलाके में सुरक्षाबलों ने रविवार को एक आतंकी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। गिरफ्तार आतंकी से सुरक्षाबलों ने काफी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद किया है। सुरक्षाबलों को बड़गाम जिले के नौगाम में आतंकी के छिपे होने की सूचना मिली थी। सूचना के आधार पर बड़गाम पुलिस ने सेना की 50 राष्ट्रीय राइफल के जवानों के साथ मिलकर तलाशी अभियान चलाया। तलाशी अभियान के दौरान सुरक्षाबलों ने आतंकी गिरफ्तार कर लिया। उसकी पहचान शेख शाहिद गुलाम निवासी मुच्चवा के रूप में हुई है। आतंकी की तलाशी लेने पर उसके कब्जे से पिस्तौल, कारतूस और अन्य सामान बरामद हुआ है। बड़गाम पुलिस स्टेशन में इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया गया है और आगे की कार्यवाही शुरू कर दी गई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 May 2022

new delhi, Eid celebrated ,country on Tuesday

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली सहित देश के किसी भी हिस्से में ईद का चांद नजर नहीं आया है। रविवार को चांद का दीदार नहीं होने की वजह से देशभर में मंगलवार 3 मई को ईद मनाए जाने का फैसला लिया गया है। दिल्ली की ऐतिहासिक जामा मस्जिद और शाही मस्जिद फतेहपुरी में आयोजित मरकजी रूयत-ए-हिलाल कमेटी की बैठक में ईद का चांद देखने की कोशिश की गई है। कमेटी की तरफ से देशभर से चांद निकलने के संबंध में जानकारी भी एकत्र की गई है लेकिन प्राप्त जानकारियों के अनुसार कहीं से भी चांद निकलने की सूचना नहीं मिली है। इसलिए कमेटी ने देशभर के मुसलमानों से कल सोमवार के दिन 30वां रोजा रखने और मंगलवार 3 मई को ईद मनाने की अपील की है। दिल्ली की शाही जामा मस्जिद में मगरिब की नमाज के बाद हिलाल कमेटी की बैठक आयोजित की गई। बैठक में लिए गए फैसले के बाद घोषणा करते हुए शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने कहा कि दिल्ली और उसके आसपास व देश के अन्य किसी हिस्से में ईद का चांद नहीं दिखाई देने की सूचना मिली है। उन्होंने बताया कि ईद का चांद निकलने के बारे में किसी व्यक्ति के जरिए न तो कोई दावा किया गया और न ही चांद दिखाई पड़ने की गवाही दी गई है। उनका कहना है कि देश के अधिकांश भूभाग में आसमान में धूल के कण मौजूद थे। आसमान भी साफ नहीं था। इस वजह से भी चांद देखने में कठिनाई पेश आई है। उन्होंने बताया कि इन सब कारणों की वजह से कमेटी ने सर्वसम्मति से यह फैसला लिया है कि देशभर में ईद-उल-फित्र की नमाज मंगलवार को अदा की जाएगी और सोमवार 2 मई को पवित्र रमजान महीने का तीसवां रोजा रखा जाएगा। इसी तरह का ऐलान शाही मस्जिद फतेहपुरी के इमाम डॉ. मुफ्ती मुकर्रम अहमद ने भी किया है। उधर मरकजी चांद कमेटी, फरंगी महल लखनऊ की तरफ से भी 29वें रमजान-उल-मुबारक को ईद का चांद नजर नहीं आने की घोषणा की गई है। मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि ईद इंशा अल्लाह 3 मई को मनाई जाएगी। हिलाल कमेटी जमीयत अहले हदीस और हिलाल कमेटी इमारत-ए-शरिया, जमीयत उलमा-ए-हिंद ने भी की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 May 2022

new delhi, PM Modi, visit three European countries

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 02-04 मई को जर्मनी, डेनमार्क और फ्रांस की आधिकारिक यात्रा पर रहेंगे। इस वर्ष यह प्रधानमंत्री की पहली विदेश यात्रा होगी।   विदेश सचिव विनय मोहन क्वात्रा ने रविवार को विशेष पत्रकारवार्ता में बताया कि प्रधानमंत्री जर्मनी, फ्रांस और डेनमार्क की यात्रा के दौरान यूक्रेन पर भारत के दृष्टिकोण का आदान-प्रदान करेंगे।   बर्लिन में प्रधानमंत्री जर्मनी के चांसलर ओलाफ स्कोल्ज के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। दोनों नेता भारत-जर्मनी अंतर-सरकारी परामर्श (आईजीसी) के छठे संस्करण की सह अध्यक्षता भी करेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री और चांसलर स्कोल्ज संयुक्त रूप से एक बिजनेस कार्यक्रम को भी संबोधित करेंगे।   प्रधानमंत्री जर्मनी यात्रा के बाद डेनमार्क में आयोजित दूसरे भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे। दूसरे भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री अन्य नॉर्डिक देशों के नेताओं आइसलैंड की प्रधानमंत्री कैटरीन जैकोब्स्दोतिर, नॉर्वे के प्रधानमंत्री जोनास गहर स्टोर, स्वीडन की प्रधानमंत्री मैग्डेलेना एंडरसन और फिनलैंड की प्रधानमंत्री सना मारिन से बातचीत करेंगे।   प्रधानमंत्री मोदी की यह डेनमार्क की पहली यात्रा होगी लेकिन डेनमार्क की प्रधानमंत्री के साथ उनकी तीसरी शिखर स्तरीय बातचीत होगी। चर्चा द्विपक्षीय मुद्दों और वैश्विक व क्षेत्रीय हितों के मुद्दों पर केंद्रित होगी।   प्रधानमंत्री वापसी में 04 मई को कुछ समय के लिए पेरिस में रुकेंगे और राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से मुलाकात करेंगे। भारत और फ्रांस इस साल अपने राजनयिक संबंधों के 75 वर्ष मना रहे हैं और दोनों नेताओं के बीच बैठक सामरिक साझेदारी का महत्वाकांक्षी एजेंडा निर्धारित करेगी। क्वात्रा ने बताया कि प्रधानमंत्री जर्मनी और डेनमार्क दोनों जगह भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे। इस बीच प्रधानमंत्री ने यात्रा पूर्व अपने वक्तव्य में कहा कि उनकी यूरोप यात्रा ऐसे समय में हो रही है जब यह क्षेत्र कई चुनौतियों और विकल्पों का सामना कर रहा है। अपनी विविध भागीदारी के माध्यम से वे अपने यूरोपीय भागीदारों के साथ सहयोग की भावना को मजबूत करने का इरादा रखते हैं। यह देश भारत की शांति और समृद्धि की तलाश में महत्वपूर्ण साथी हैं। उन्होंने बताया कि जर्मनी अंतर-सरकारी परामर्श (आईजीसी) के दौरान कई भारतीय मंत्री भी जर्मनी की यात्रा करेंगे और अपने जर्मन समकक्षों के साथ विचार-विमर्श करेंगे। विदेश सचिव के अनुसार जर्मनी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री के साथ विदेशमंत्री एस. जयशंकर, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह भी होंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 May 2022

chandigarh, Six arrested, including Patiala violence, mastermind Parwana

चंडीगढ़। पंजाब पुलिस ने पटियाला हिंसा के मास्टरमाइंड बरजिंदर सिंह परवाना समेत छह आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। परवाना, दमदमी टकसाल के राजपुरा विंग का अध्यक्ष है। परवाना को मोहाली से गिरफ्तार किया गया है। पटियाला रेंज के आई एमएस छीना ने रविवार को पत्रकारों को बताया कि पटियाला में हुई हिंसा के दौरान सिख गरमपंथियों को बरजिंदर सिंह परवाना तथा हिंदू गरमपंथियों को हरीश सिंगला ने लीड किया था। पुलिस दोनों आरोपितों और उनके मुख्य सहयोगियों समेत नौ लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।   छीना ने बताया कि सिंगला के साथी शिवसेना बाल ठाकरे के जिला प्रधान शंकर भारद्वाज के अलावा हिंदू नेता अश्वनी कुमार उर्फ गग्गी पंडित निवासी बहादुरगढ़ पटियाला के अलावा शिव देव निवासी गांव बाल सिकंदर जिला फतेहगढ़ साहिब, दविंदर सिंह निवासी जींद हरियाणा राजिंदर सिंह निवासी समाना पटियाला को गिरफ्तार कर लिया है।   पटियाला की उपायुक्त साक्षी साहनी ने कहा कि शुक्रवार को निकाली गई दोनों रैलियों की जिला प्रशासन की तरफ से मंजूरी नहीं ली गई थी, इनके आवेदन को प्रशासन ने खारिज कर दिया था। खालिस्तान मुर्दाबाद मार्च निकालने के लिए हरीश सिंगला ने जिला प्रशासन से मंजूरी मांगी थी, वहीं दूसरे गुट ने भी खालिस्तान के हक मार्च निकालने के लिए मंजूरी मांगी थी।   हिंसा का मुख्य साजिशकर्ता बरजिंदर सिंह परवाना कई मामलों में वांछित है। उस पर चार केस दर्ज हैं। राजपुरा के गुरु गोबिंद सिंह नगर का रहने वाला परवाना ही भीड़ को काली माता मंदिर के बाहर इकट्ठा करने व उसे भड़काने का आरोपित है। आईजी छीना ने बताया कि इस पूरे घटनाक्रम की जांच के लिए कुल बीस टीमों का गठन किया गया है। पुलिस टीमें लगातार छापे मार रही हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 May 2022

new delhi,new army chief,guard of honor

नई दिल्ली। नए सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे को भारतीय सेना के 29वें प्रमुख के रूप में कार्यभार संभालने के बाद रविवार को साउथ ब्लॉक के लॉन में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इससे पहले जनरल पांडे ने पूर्वी सेना कमांडर की भूमिका निभाई और चीन, म्यांमार और बांग्लादेश के साथ भारत की सीमाओं की देखभाल की।   जनरल पांडे अब तक उप थल सेनाध्यक्ष का पद संभाल रहे थे। वह थल सेना प्रमुख बनने वाले कोर ऑफ इंजीनियर्स के पहले अधिकारी हैं। सेनाध्यक्ष का पदभार ग्रहण करने पर जनरल मनोज पांडे ने साउथ ब्लॉक के लॉन में सेरेमोनियल गार्ड ऑफ ऑनर की समीक्षा की। सीओएएस ने बेदाग और प्रभावशाली परेड के लिए गार्ड की सराहना की।   उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि देश की चुनौतियों का सामना करने के लिए उच्चस्तरीय परिचालन तैयारियां सुनिश्चित करना प्राथमिकता होगी। मेरे लिए गर्व की बात है कि मुझे थल सेना के नेतृत्व का दायित्व सौंपा जा रहा है जिसे मैं पूरी विनम्रता से स्वीकार करता हूं।   उन्होंने कहा कि भारतीय सेना का गौरवशाली इतिहास रहा है जिसने देश की सुरक्षा और अखंडता को कायम रखने का बखूबी काम किया है। उसी प्रकार थलसेना का देश निर्माण में उतना ही योगदान रहा है। मैं देशवासियों को आश्वासन देना चाहता हूं कि भारतीय सेना स्वतंत्रता, स्वाधीनता और समानता पर पूरी तरह प्रतिबद्ध है। मेरी कोशिश पूर्व अधिकारियों के अच्छे काम को आगे बढ़ाने की रहेगी।   सेनाध्यक्ष जनरल मनोज पांडे ने कहा कि क्षमता विकास और बल आधुनिकीकरण के संदर्भ में मेरा प्रयास स्वदेशीकरण और आत्मनिर्भर भारत की प्रक्रिया के माध्यम से नई तकनीकों का लाभ उठाने का होगा। मैं अन्य दो सेना प्रमुखों को अच्छी तरह से जानता हूं। यह तीनों सेवाओं के बीच तालमेल, सहयोग और संयुक्तता की अच्छी शुरुआत है। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि हम तीनों मिलकर राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा के लिए चीजों को आगे बढ़ाएंगे।   सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने मीडिया से कहा कि भू-राजनीतिक स्थिति तेजी से बदल रही हैं। हमारे सामने कई चुनौतियां हैं, इसलिए भारतीय सेना का कर्तव्य है कि वह सभी सहयोगी सेवाओं के साथ समन्वय में किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार रहे। भारतीय सेना के सभी अधिकारियों को करियर और पेशेवर विकास के लिए समान अवसर मिलते हैं। वरिष्ठ नेतृत्व पदों पर सभी अधिकारी युद्ध के सभी पहलुओं पर प्रशिक्षित और उन्मुख होते हैं।   उन्होंने कहा कि मेरी सबसे बड़ी प्राथमिकता संघर्ष के पूरे स्पेक्ट्रम में वर्तमान, समकालीन और भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए परिचालन तैयारियों के उच्च मानकों को सुनिश्चित करना होगा। मैं सेनाओं के आधुनिकीकरण के लिए चल रहे सुधारों, पुनर्गठन और परिवर्तन पर ध्यान केंद्रित करना चाहता हूं ताकि सेना की परिचालन और कार्यात्मक दक्षता को बढ़ाया जा सके। तीनों सेनाओं के बीच आपसी सहयोग बढ़ाना भी मेरा मुख्य उद्देश्य होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 May 2022

new delhi, General Naravane retired, Manoj Pandey, took charge

नई दिल्ली। देश के 28वें थल सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे शनिवार को 28 महीने का कार्यकाल पूरा करने के बाद सेवानिवृत्त हो गए। साउथ ब्लॉक लॉन में सेरेमोनियल गार्ड ऑफ ऑनर प्रदान करके उन्हें विदाई दी गई। जनरल एमएम नरवणे ने सेवानिवृत्त होने के बाद राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर माल्यार्पण करके शहीदों को श्रद्धांजलि दी। लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे ने जनरल एमएम नरवणे से भारतीय सेना के आज ही 29वें सेनाध्यक्ष का पदभार संभाल लिया। उन्हें औपचारिक रूप से कार्यभार संभालने के लिए 01 मई को सुबह 09:30 बजे साउथ ब्लॉक लॉन, गेट नंबर 2 के पास गार्ड ऑफ ऑनर दिया जायेगा। जनरल नरवणे ने 28वें सेना प्रमुख के रूप में 31 दिसंबर, 2019 को कार्यभार संभाला था। वह बतौर भारतीय सेना प्रमुख तीन दिवसीय दौरे पर 03 अप्रैल को सिंगापुर गए थे। जनरल नरवणे शनिवार को 28 महीने का कार्यकाल पूरा करने के बाद सेवानिवृत्त हो गए। साउथ ब्लॉक लॉन में सेरेमोनियल गार्ड ऑफ ऑनर प्रदान करके उन्हें विदाई दी गई। जनरल नरवणे ने सेवानिवृत्त होने के बाद राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जाकर माल्यार्पण करके शहीदों को श्रद्धांजलि दी। थल सेनाध्यक्ष जनरल नरवणे ने पत्नी वीना नरवणे के साथ राष्ट्रपति भवन जाकर सैन्य बलों के सर्वोच्च कमांडर रामनाथ कोविंद और प्रथम महिला सविता कोविंद से मुलाकात की। देश की 42 साल सेवा करने के बाद सेवानिवृत्त होने पर जनरल नरवणे ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाक़ात की। रक्षा मंत्री ने ट्वीट करके कहा कि "जनरल नरवणे के साथ शानदार मुलाकात हुई। एक सैन्य नेता के रूप में उनके योगदान ने भारत की रक्षा क्षमताओं और तैयारियों को मजबूत किया है। मैं उनके भविष्य के प्रयासों में सफलता की कामना करता हूं।" भारत के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत का 08 दिसम्बर, 2021 को हेलीकॉप्टर दुर्घटना में निधन होने के बाद से रिक्त चीफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी (सीएससी) के अध्यक्ष पद का अतिरिक्त प्रभार जनरल नरवणे को सौंपा गया है। नरवणे को इस पद का प्रभार मौजूदा तीनों सेना प्रमुखों में सबसे वरिष्ठ होने के कारण दिया गया है। तीनों सेना प्रमुखों में से सबसे वरिष्ठ को ही चीफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी का अध्यक्ष बनाए जाने की परंपरा है। सीएससी का अतिरिक्त प्रभार दिए जाने के बाद से ही जनरल नरवणे का नाम सैन्य बलों के प्रमुख (सीडीएस) पद के लिए सबसे आगे है। अब जल्द ही देश के अगले सीडीएस के रूप में जनरल नरवणे के नाम का औपचारिक रूप से ऐलान हो सकता है। लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे ने जनरल नरवणे से आज ही भारतीय सेना के 29वें सेनाध्यक्ष का पदभार संभाल लिया। उन्हें औपचारिक रूप से कार्यभार संभालने के बाद 01 मई को सुबह 09:30 बजे साउथ ब्लॉक लॉन, गेट नंबर 2 के पास गार्ड ऑफ ऑनर दिया जायेगा। वह अभी तक सेना के 43वें वाइस चीफ थे और उन्होंने यह कुर्सी 01 फरवरी, 2022 को संभाली थी। थल सेनाध्यक्ष बनने वाले लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे कोर ऑफ इंजीनियर्स के पहले अधिकारी हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 April 2022

dehradoon,Departure program continues , Dhams of Dev Dolis

देहरादून। चार धाम यात्रा-2022 को लेकर तैयारियां तेज हो गई हैं। कपाट खुलने के लिए देव डोलियों के धामों को प्रस्थान का कार्यक्रम जारी कर दिया गया है। श्रद्धालुओं के सुखद और सुविधाजनक यात्रा को लेकर शासन प्रशासन के साथ मंदिर समिति की ओर से व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए कार्य जारी हैं।   बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी डा.हरीश गौड़ ने बताया है कि केदारनाथ धाम के कपाट 6 मई (शुक्रवार) समय प्रात: 6.15 पर खुलेंगे।   भगवान केदारनाथ की पंचमुखी डोली के प्रस्थान का कार्यक्रम के अंतर्गतभैरव पूजा 1 मई रविवार को है। भगवान केदारनाथ की पंचमुखी डोली धाम प्रस्थान करेगा। 02 मई सोमवार प्रात: 9 बजे होगा 02 मई प्रथम पडाव विश्वनाथ मंदिर गुप्तकाशी प्रवास रहेगा, 03 मई मंगलवार गुप्तकाशी से 8 बजे प्रात: फाटा प्रस्थान एवं प्रवास रहेगा। 04 मई बुधवार फाटा से प्रात: 08 बजे गौरामाई मंदिर गौरीकुंड प्रस्थान एवं प्रवास गौरीकुंड रहेगा। पांच मई गुरुवार गौरीकुंड से प्रात: छह बजे भगवान की पंचमुखी डोली गौरीकुंड से केदारनाथ धाम प्रस्थान करेगी। छह मई शुक्रवार प्रात: 06 बजकर 15 मिनट पर केदारनाथ धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए दर्शनार्थ खुलेंगे। बदरीनाथ धाम कपाट 08 मई को खुलेंगे कपाट- बदरीनाथ धाम कपाट 08 मई रविवार सुबह 6 बजकर 25 मिनट पर खुले़गे। बदरी विशाल देव डोली प्रस्थान कार्यक्रम के अंतर्गत 06 मई शुक्रवार प्रात: 9 बजे नृसिंह मंदिर जोशीमठ से आदि गुरु शंकराचार्य की गद्दी एवं तेल कलश गाडू घड़ा सहित बदरीनाथ धाम के रावल योगध्यान बदरी प्रस्थान एवं प्रवास पांडुकेश्वर रहेगा तथा 07 मई शनिवार प्रात: योग बदरी पांडुकेश्वर से आदि गुरु शंकराचार्य की गद्दी, रावल सहित देवताओं के खजांची कुबेर एवं भगवान के सखा उद्धव, गाडू घड़ा तेल कलश बदरीनाथ धाम को पांडुकेश्वर से प्रात: 9 बजे बदरीनाथ धाम को प्रस्थान करेंगे और बदरीनाथ धाम पहुंचेंगे। 08 मई प्रात: 6 बजकर 25 मिनट पर शीतकाल के लिए बदरीनाथ धाम के कपाट खुलेंगे। गंगोत्री धाम कपाट खुलने की तिथि- मंदिर समिति ग़गोत्री और मंदिर समिति यमुनोत्री के अनुसार गंगोत्री धाम के कपाट खुलने की तिथि 03 मई मंगलवार दोपहर 11.15 बजे पूर्वाह्न है। यमुनोत्री धाम कपाट खुलने की तिथि 03 मई मंगलवार अपराह्न दिन 12.15 बजे है। यमुना की डोली 03 मई प्रात: शीतकालीन गद्दी स्थल खुशीमठ (खरसाली) से प्रस्थान करेगी। पवित्र हेमकुंड साहिब और लोकपाल तीर्थ के कपाट रविवार 22 मई को को खुलेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 April 2022

new delhi, responsibility , ensure legal education

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को कहा कि सरकार न्यायिक व्यवस्था में सुधार के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि देश के सामान्य नागरिकों में न्याय प्रणाली के प्रति भरोसा कायम रखने के लिए न्यायालयों में स्थानीय भाषाओं को बढ़ावा देने की जरूरत है। प्रधानमंत्री मोदी विज्ञान भवन में राज्यों के मुख्यमंत्रियों और उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीशों के संयुक्त सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आजादी के 'अमृत काल' में हमारी दृष्टि एक ऐसी न्याय प्रणाली के लिए होनी चाहिए जहां न्याय आसानी से, त्वरित और सभी के लिए उपलब्ध हो। कानून की पेचीदगियों को आम आदमी के लिए गंभीर चुनौती बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि 2015 में हमने करीब 1800 ऐसे कानूनों को चिन्हित किया था जो अप्रासंगिक हो चुके थे। इनमें से जो केंद्र के कानून थे, ऐसे 1450 कानूनों को हमने खत्म किया। लेकिन, राज्यों की तरफ से केवल 75 कानून ही खत्म किए गए हैं। प्रधानमंत्री ने सभी मुख्यमंत्रियों और उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीशों से अपील की कि वे मानवीय संवेदनाओं और कानून के आधार पर विचाराधीन कैदियों के मामलों की प्राथमिकता के आधार पर समीक्षा करें। उन्होंने कहा कि देश में करीब साढ़े तीन लाख कैदी ऐसे हैं जिन पर मुकदमा चल रहा है और वे जेल में हैं। इनमें से ज्यादातर गरीब या साधारण परिवार से हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जिले में इन मामलों की समीक्षा के लिए जिला न्यायाधीश की अध्यक्षता में एक समिति होती है ताकि इन मामलों की समीक्षा हो सके यदि संभव हो तो उन्हें जमानत पर रिहा किया जा सके। उन्होंने कहा कि न्यायालयों में और खासकर स्थानीय स्तर पर लंबित मामलों के समाधान के लिए मध्यस्थता- भी एक महत्वपूर्ण जरिया है। हमारे समाज में तो मध्यस्थता के जरिए विवादों के समाधान की हजारों साल पुरानी परंपरा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे देश में जहां एक ओर न्यायालय की भूमिका संविधान संरक्षक की है, वहीं विधान मंडल नागरिकों की आकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व करती है। मुझे विश्वास है कि संविधान की इन दो धाराओं का ये संगम, ये संतुलन देश में प्रभावी और समयबद्ध न्याय व्यवस्था का रोडमैप तैयार करेगा। आजादी के इन 75 सालों ने न्यायालय और कार्यपालक दोनों के ही भूमिका और जिम्मेदारियों को निरंतर स्पष्ट किया है। जहां जब भी जरूरी हुआ, देश को दिशा देने के लिए ये संबंध लगातार विकसित हुआ है। उन्होंने कहा कि 2047 में जब देश अपनी आज़ादी के 100 साल पूरे करेगा, तब हम देश में कैसी न्याय व्यवस्था देखना चाहेंगे? हम किस तरह अपने न्याय व्यवस्था को इतना समर्थ बनाएं कि वो 2047 के भारत की आकांक्षाओं को पूरा कर सके, उन पर खरा उतर सके, ये प्रश्न आज हमारी प्राथमिकता होना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत सरकार भी न्याय व्यवस्था में प्रौद्योगिकी की संभावनाओं को डिजिटल इंडिया मिशन का एक जरूरी हिस्सा मानती है। उदाहरण के तौर पर, ई-कोर्ट परियोजना को आज मिशन मोड में लागू किया जा रहा है। आज छोटे कस्बों और यहां तक कि गांवों में भी डिजिटल भुगतान आम बात होने लगी है। पूरे विश्व में पिछले साल जितने डिजिटल ट्रांजेक्शन हुए, उसमें से 40 प्रतिशत डिजिटल ट्रांजेक्शन भारत में हुए हैं।   प्रधानमंत्री ने कहा कि आजकल कई देशों में विधि विश्वविद्यालय में ब्लॉक-चैन, इलेक्ट्रॉनिक खोज, साइबर सुरक्षा, रोबोटिक्स, एआई और जैवनैतिकता जैसे विषय पढ़ाये जा रहे हैं। हमारे देश में भी कानूनी शिक्षा इन अंतरराष्ट्रीय मानक के मुताबिक हो, ये हमारी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि हमें न्यायालयों में स्थानीय भाषाओं को प्रोत्साहन देने की जरूरत है। इससे देश के सामान्य नागरिकों का न्याय प्रणाली में भरोसा बढ़ेगा, वो उससे जुड़ा हुआ महसूस करेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 April 2022

mumbai,Sanjay Raut , country divided, Hanuman Chalisa

मुंबई। शिवसेना प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य संजय राऊत ने शनिवार को कहा कि राजद्रोह पर देशव्यापी बहस की जरूरत है। हनुमान चालीसा के नाम पर दंगा भड़काकर देश को विभाजित करने का प्रयास किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अपमानित करने वाला आज देश को हिंदुत्व सिखा रहा है।   संजय राऊत ने पत्रकारों से कहा कि राज ठाकरे कई बार योगी आदित्यनाथ के बारे में अपमानजनक टिप्पणी कर चुके हैं। उन्हें गंजा, टकला, भगवा कपड़े पहनकर इधर-उधर घूमने वाला बता चुके हैं। फिर रंग बदलते हुए राज ठाकरे उन्हें भैया बताकर केक काट चुके हैं। अब राज ठाकरे अयोध्या जा रहे हैं। राऊत ने कहा कि देखना है कि योगी उनका स्वागत किस तरह करते हैं।   संजय राऊत ने कहा कि जब लोग सार्वजनिकरूप से हिंदुत्व शब्द का उच्चारण करने से डरते थे। तब बालासाहेब ठाकरे ने नारा दिया था कि गर्व से कहो हम हिंदू हैं। बाबरी मसजिद ढहाने और उसके बाद हुए दंगों में हजारों शिवसैनिकों ने बलिदान दिया।हिंदुत्व के मुद्दे पर ही चुनाव आयोग ने छह साल तक के लिए बालासाहेब ठाकरे को मताधिकार से वंचित कर दिया था। प्रवक्ता राऊत ने कहा कि उन्हीं बालासाहेब ठाकरे की पीठ में खंजर भोंकने वाले अब हिंदुत्व की बात कर रहे हैं। शिवसेना कभी भी किसी का हथियार नहीं बनी और न बनेगी। अगर किसी ने भी शिवसेना को बदनाम करने का प्रयास किया तो करारा जवाब देगी। राजद्रोह कानून पर देशव्यापी बहस की जरूरत है क्योंकि केंद्र सरकार और भाजपा शासित राज्यों की सरकारें इसका बड़े पैमाने पर दुरुपयोग कर रही हैं। राऊत ने कहा कि सोशल मीडिया पर मामूली पोस्ट डालने वालों और कामेडी करने वालों पर राजद्रोह का मामला दर्ज होने लगा है। सांसद नवनीत राणा और रवि राणा पर राजद्रोह का मामला बनता था। इसलिए दर्ज किया गया। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी भीमा कोरेगांव मामले में राजद्रोह का मामला दर्ज किया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 April 2022

candigarh, Patiala Violence,IG, SSP, SP removed

चंडीगढ़। पंजाब के पटियाला में शुक्रवार को हुई हिंसक झड़प के बाद राज्य सरकार ने पुलिस महानिरीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और पुलिस अधीक्षक को शनिवार को हटा दिया। तनाव को देखते हुए सरकार ने मोबाइल इंटरनेट सेवाएं अस्थायी तौर पर शाम छह बजे तक के लिए निलंबित कर दी हैं। पटियाला में हुई हिंसा के बाद मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान की सरकार हरकत में आ गई है। मुख्यमंत्री भगवंत मान के निर्देश पर शनिवार को पटियाला रेंज के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी), वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) और पुलिस अधीक्षक (एसपी) का तत्काल प्रभाव से तबादला कर दिया गया। मुख्यमंत्री कार्यालय के प्रवक्ता ने बताया कि मुखविंदर सिंह चिन्ना को पटियाला का नया आईजी बनाया गया है। दीपक पारिक और वजीर सिंह को पटियाला का क्रमश: नया एसएसपी और एसपी बनाया गया है। इस बीच हिंदू संगठनों ने शनिवार को पटियाला में काली देवी मंदिर के बाहर प्रदर्शन किया है। इस मौके पर शिवसेना हिंदुस्तान के अध्यक्ष ने कहा कि पंजाब के हिंदू विरोध के लिए तैयार हैं। यहां एकत्र लोगों की संख्या के आधार पर प्रशासन हमें कम आंकने की भूल न करे। उल्लेखनीय है कि पटियाला में शुक्रवार को 'खालिस्तान विरोधी मार्च' को लेकर दो समूहों के बीच हुई हिंसा में चार व्यक्ति घायल हो गए। स्थिति को नियंत्रण करने के लिए पुलिस को हवा में गोलियां चलानी पड़ीं। इसके बाद प्रशासन को शनिवार सुबह छह बजे तक कर्फ्यू लगाना पड़ा। हिंसा के बाद पुलिस ने शिवसेना (बाल ठाकरे)' के नेता हरीश सिंगला को बिना अनुमति के जुलूस निकालने और हिंसा भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया गया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 April 2022

mumbai, Court

मुंबई। राजद्रोह मामले में शनिवार को मुंबई के सेशन कोर्ट ने सांसद नवनीत राणा तथा उनके पति रवि राणा की जमानत याचिका पर निर्णय सोमवार तक के लिए सुरक्षित रख दिया है। शनिवार को सेशन कोर्ट में राजद्रोह मामले में राणा दंपति की जमानत याचिका की सुनवाई हुई। राणा दंपति की ओर से वकील आबाद पांडा तथा रिजवान मर्चंट कोर्ट में पेश हुए। आबाद पांडा ने कोर्ट से राजद्रोह के कानून पर पुनर्विचार करने की मांग की। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय तथा केंद्र सरकार इस कानून के उपयोग के बारे में अपना विचार प्रस्तुत कर चुके हैं। इसलिए इस कानून के उपयोग पर कोर्ट भी विचार करे और आरोपितों को जमानत देने का विचार करे। हालांकि सरकारी वकील प्रदीप धरत ने कहा कि आरोपितों ने हनुमान चालीसा पठन के नाम पर राज्य में दंगे की साजिश रची थी। इसी वजह से आरोपित बार- बार सरकार को चुनौती दे रहे थे। अगर आरोपितों को जमानत दी गई तो राज्य की कानून व्यवस्था बाधित हो सकती है। सरकारी वकील ने कोर्ट को बताया कि रवि राणा पर 18 आपराधिक मामले तथा नवनीत राणा पर 7 आपराधिक मामले पहले से दर्ज हैं। इसके बाद कोर्ट ने मामले का निर्णय सोमवार तक के लिए सुरक्षित रख दिया है। कोर्ट ने राणा दंपति को घर का भोजन दिए जाने का आवेदन भी खारिज कर दिया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 April 2022

new delhi,NTAGI approves ,Kovovax ,12-17 year olds

नई दिल्ली। राष्ट्रीय टीकाकरण तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) के कोविड-19 कार्यकारी समूह ने सीरम इंस्टीट्यूट के कोवोवैक्स को राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम में 12 से 17 उम्र वालों के लिए शामिल करने की मंजूरी दे दी है। भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने कोवोवैक्स को 28 दिसंबर को वयस्कों में आपात स्थितियों में सीमित उपयोग के लिए और 9 मार्च को 12-17 आयु वर्ग के लिए कुछ शर्तों के अधीन इस्तेमाल की मंजूरी दी थी।   केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अप्रैल के पहले हफ्ते हुई बैठक में कोरोना को लेकर गठित कार्यकारी समूह ने एनटीएजीआई की स्थायी तकनीकी उप-समिति से सिफारिश की थी। इसी के मद्देनजर कोवोवैक्स को 12 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम में शामिल किया गया है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने इस संबंध में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिखकर कोवोवैक्स को टीकाकरण अभियान में शामिल करने का अनुरोध किया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 April 2022

payiala, Will not allow peace ,disturbed in Punjab,CM

पटियाला। पटियाला में शुक्रवार को शिवसेना और सिख संगठनों के बीच हुई झड़प के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पंजाब के डीजीपी और और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आपात बैठक में हालात पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने जांच के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों को सख्त हिदायत दी कि किसी भी दोषी को बख्शा न जाए। मान ने कहा कि पंजाब में शांति भंग नहीं होने देंगे। मुख्यमंत्री मान ने कहा कि सूबे की शांति को भंग करने का सपना देखने वाली पंजाब विरोधी ताकतों के मंसूबों को कभी भी कामयाब नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने लोगों से आपसी सौहार्द बनाए रखने की अपील की। सूत्रों कहना है कि पटियाला के कई बड़े पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों पर भी गाज गिर सकती है।उल्लेखनीय है कि पुलिस की इजाजत के बिना निकाले गए इस जुलूस पर पुलिस, प्रशासन और संबंधित एजेंसियों की भूमिका पर गंभीर सवाल उठ रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 April 2022

new delhi, Lt Gen Manoj Pandey,Army Chief

नई दिल्ली। भारतीय थलसेना के मौजूदा उप प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे 01 मई को सुबह 09:30 बजे सेना प्रमुख का औपचारिक रूप से कार्यभार संभालेंगे। 09:40 बजे साउथ ब्लॉक लॉन, गेट नंबर 2 के पास गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा। रविवार को ही लेफ्टिनेंट जनरल बग्गवल्ली सोमशेखर राजू थलसेना के उप प्रमुख के रूप में पदभार ग्रहण करेंगे। मौजूदा सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे शनिवार को सेवानिवृत्त हो जाएंगे। लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे को भारतीय सेना का अगला प्रमुख नियुक्त किया गया है। रक्षा मंत्रालय ने 18 अप्रैल को सेना के वाइस चीफ लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे को अगले सेनाध्यक्ष के रूप में नियुक्त करने के फैसले की घोषणा की थी। जनरल मनोज पांडे 01 मई को सुबह 09:30 बजे सेना प्रमुख का औपचारिक रूप से कार्यभार संभालेंगे। 09:40 बजे साउथ ब्लॉक लॉन, गेट नंबर 2 के पास गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा। जनरल पांडे ने सेना के 43वें वाइस चीफ की कुर्सी 01 फरवरी, 2022 को संभाली थी। देश के मौजूदा थल सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे 30 अप्रैल को अपना 28 महीने का कार्यकाल पूरा करेंगे। सेना के 43वें वाइस चीफ बनने वाले लेफ्टिनेंट जनरल बग्गवल्ली सोमशेखर राजू सैनिक स्कूल बीजापुर और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के पूर्व छात्र हैं। उन्हें 15 दिसंबर, 1984 को जाट रेजिमेंट में कमीशन किया गया था। उन्होंने पश्चिमी थियेटर और जम्मू-कश्मीर में ऑपरेशन पराक्रम के दौरान अपनी बटालियन की कमान संभाली। उन्हें नियंत्रण रेखा के साथ उरी ब्रिगेड, एक काउंटर इंसर्जेंसी फोर्स और कश्मीर घाटी में चिनार कॉर्प्स की कमान संभालने का गौरव भी प्राप्त है। जनरल ऑफिसर ने भूटान में भारतीय सैन्य प्रशिक्षण दल के कमांडेंट के रूप में भी काम किया है। अपने 38 वर्षों के शानदार करियर के दौरान लेफ्टिनेंट जनरल ने सेना मुख्यालय में कई महत्वपूर्ण रेजिमेंट, स्टाफ और निर्देशात्मक नियुक्तियां संभाली हैं। वह फील्ड फॉर्मेशन में सैन्य सचिव शाखा में कर्नल सैन्य सचिव कानूनी, व्हाइट नाइट कॉर्प्स के ब्रिगेडियर जनरल स्टाफ और उप महानिदेशक सैन्य अभियान और महानिदेशक स्टाफ कर्तव्य पदों पर भी रहे हैं। उप थल सेनाध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभालने से पहले जनरल ऑफिसर एलएसी पर चीन के साथ गतिरोध के दौरान डायरेक्टर जनरल मिलिट्री ऑपरेशंस पद पर कार्य कर रहे थे। लेफ्टिनेंट जनरल बग्गवल्ली सोमशेखर राजू योग्य हेलीकॉप्टर पायलट हैं और उन्होंने यूएनओएसओएम II के हिस्से के रूप में सोमालिया में परिचालन उड़ान भरी है। वह जाट रेजीमेंट के कर्नल भी हैं। लेफ्टिनेंट जनरल राजू ने भारत में सभी महत्वपूर्ण करियर पाठ्यक्रमों में भाग लिया है और रॉयल कॉलेज ऑफ डिफेंस स्टडीज, यूनाइटेड किंगडम में एनडीसी की है। उन्होंने नेवल पोस्टग्रेजुएट स्कूल, मॉन्टेरी, संयुक्त राज्य अमेरिका में काउंटर टेररिज्म में एक विशिष्ट मास्टर प्रोग्राम की डिग्री भी प्राप्त की है। सेना में शानदार योगदान के लिए उन्हें उत्तम युद्ध सेवा पदक, अति विशिष्ट सेवा पदक और युद्ध सेवा पदक से सम्मानित किया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 April 2022

mumbai, Former Home Minister, Anil Deshmukh

मुंबई। महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री और राकांपा नेता अनिल देशमुख की मनी लॉन्ड्रिंग मामले में विशेष अदालत ने 14 दिन तक न्यायिक हिरासत बढ़ाने का आदेश जारी किया है। साथ ही आज विशेष अदालत ने अनिल देशमुख के सहायक संजीव पालांडे, कुंदन शिंदे, निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाझे की भी न्यायिक हिरासत 14 दिन तक बढ़ाने का आदेश दिया है। अनिल देशमुख तथा अन्य आरोपितों को आज सेंट्रल इंवेस्टिगेशन ब्यूरो (सीबीआई) ने विशेष अदालत में पेश किया था और तीन दिन की हिरासत की मांग की। अदालत ने अनिल देशमुख सहित अन्य आरोपितों की सीबीआई हिरासत बढ़ाने की सीबीआई की मांग को खारिज कर दिया और सभी आरोपितों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। उल्लेखनीय है कि पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने 100 करोड़ रुपये की रंगदारी वसूलने का लक्ष्य देने का आरोप लगाया था। इसी मामले की जांच कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई कर रही है। इस मामले की जांच ईडी ने मनी लांड्रिंग एंगल से की थी और इन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। ईडी के मुताबिक निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाझे ने बार चलाने के लिए मुंबई के ऑर्केस्ट्रा बार मालिकों से 4.7 करोड़ रुपये की उगाही की और पैसे देशमुख के निजी सहायक संजीव पालांडे को सौंप दिए, जो बाद में नागपुर चले गए और पैसे एक व्यक्ति को सौंप दिया । ईडी के अधिकारियों के अनुसार हवाला चैनल के जरिए पैसा दिल्ली के सुरेंद्र कुमार जैन और वीरेंद्र जैन को भेजा गया था, जो फर्जी कंपनियां चला रहे थे। आरोप है कि जैन भाइयों ने नागपुर में श्री साई एजुकेशनल इंस्टीट्यूट को पैसा दान किया, जो देशमुख परिवार द्वारा संचालित एक ट्रस्ट है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 April 2022

new delhi, effort government ,entrepreneur,normal family, PM Modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि बीते आठ साल में देश में व्यापार, उद्यम और क्रिएटिविटी के क्षेत्र में नया विश्वास जागाने का प्रयास किया गया है। सरकार की नीतियों और एक्शन के माध्यम से निरंतर प्रयास यह है कि देश में ऐसा माहौल बने कि सामान्य परिवार का युवा भी उद्यमी बने और उसके लिए सपने देखे। प्रधानमंत्री मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सरदारधाम द्वारा आयोजित ग्लोबल पाटीदार बिजनेस समिट (जीपीबीएस) का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि रेहड़ी-पटरी पर छोटा सा व्यापार करने वाला देशवासी आज भारत की ग्रोथ स्टोरी से अपने आप को जुड़ा महसूस करता है। पहली बार रेहड़ी-पटरी वालों को भी पीएम स्वनिधि योजना से फॉर्मल बैंकिंग सिस्टम में भागीदारी मिली है। उन्होंने कहा कि हाल ही में केंद्र सरकार ने इस योजना को दिसंबर 2024 के लिए बढ़ा दिया है।   मोदी ने कहा कि छोटे से बड़े हर व्यवसाय, हर कारोबार का देश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान है। सबके प्रयास की यही भावना तो अमृतकाल में देश की ताकत बन रही है। उन्होंने प्रसन्नता जताई कि इस बार के समिट में सभी प्रतिभागी इस विषय पर विस्तार से चर्चा कर रहे हैं।   प्रधानमंत्री ने कहा कि देश को जब आजादी मिली थी तब सरदार साहब ने जो कहा था कि भारत में संपदा की कोई कमी नहीं है। हमें बस अपने दिमाग और संसाधनों को इनके सदुपयोग के लिए लगाना होगा। उन्होंने कहा कि आने वाले 25 साल के लिए जब हम एक संकल्प के साथ निकले हैं तो हमें सरदार साहब की इस बात को भूलना नहीं चाहिए ।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 April 2022

 Patiala, Clash between Shiv Sainik ,Khalistani supporters

पटियाला। पंजाब के पटियाला शहर में आर्य समाज चौक पर शुक्रवार को शिव सैनिकों और खालिस्तानी समर्थकों के बीच उस समय झड़प हो गई। पुलिस बल के जुलूस रुकवाने की कोशिश करने पर हंगामा और भी ज्यादा बढ़ गया। इसके बाद भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग तक करनी पड़ी। इसमें एक हिन्दू नेता और त्रिपुरी थाने के एसएचओ करमवीर सिंह घायल हो गए।   शिवसेना ने पटियाला में शुक्रवार को खालिस्तान विरोधी मार्च निकालने की घोषणा की थी लेकिन साथ ही खालिस्तान समर्थक समूहों ने भी इसका विरोध करने की बात कही थी। उसके बाद भी पुलिस का इसे लेकर अलर्ट ना रहना पुलिस प्रशासन पर बड़े सवाल खड़े कर रहा है। यही वजह है कि आज जब शिवसैनिकों ने खालिस्तान विरोधी जुलूस निकाला तो मौके पर पहुंचे खालिस्तानी समर्थकों ने इसका विरोध करते हुए हंगामा कर दिया। इसके बाद शिवसैनिक और खालिस्तानी समर्थक आमने-सामने आ गए। दोनों तरफ से पत्थरबाजी शुरू हो गई।   हंगामा बढ़ने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाने की कोशिश की लेकिन मामला हाथ से निकलता चला गया। दोनों ओर से जमकर पत्थरबाजी तेज हो गई। हंगामा करने वालों ने पुलिस पर भी पथराव कर दिया तो पुलिस को भीड़ तितर-बितर करने के लिए हवाई फायरिंग करनी पड़ी, जिसमें एक हिन्दू नेता और त्रिपुरी थाने के एसएचओ करमवीर सिंह घायल हो गए।   मीडिया में एसएचओ करमवीर सिंह का हाथ काटने की चल रही खबरों का पुलिस के सीनियर अधिकारी ने खंडन करते हुए लोगों से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 April 2022

mumbai, MP Navneet Rana , MLA Ravi Rana , house arrest

महिलाओं की आड़ में महाविकास आघाड़ी सरकार पर हमला कर रही है भाजपा: संजय राऊत मुंबई। निर्दलीय सांसद नवनीत राणा तथा निर्दलीय विधायक रवि राणा को मुंबई पुलिस ने उनके मुंबई स्थित खार इलाके के आवास में नजरबंद कर दिया है। राणा दम्पति के घर पर 10 पुलिस कर्मी तैनात हैं, जो उनकी गतिविधियों पर नजर रख रहे हैं। इसके बाद भी राणा दम्पति ने कहा है कि वह मुख्यमंत्री के आवास मातोश्री बंगले पर जाकर हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। शिवसेना प्रवक्ता तथा राज्यसभा सदस्य संजय राऊत ने कहा कि राणा दम्पति हनुमान चालीसा के नाम पर राज्य में दंगा भड़काना चाहते हैं। यह दोनों यह सब काम सिर्फ भारतीय जनता पार्टी के इशारे पर उनकी शह पर कर रहे हैं, जबकि इनका इससे कोई लेना देना नहीं है। संजय राऊत ने कहा कि भाजपा महिलाओं को आगे कर महाविकास आघाड़ी पर हमला कर रही है, इससे उसे कुछ हासिल नहीं होगा। भाजपा में अगर हिम्मत है तो राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाए। संजय राऊत ने राणा दम्पति को चेतावनी देते हुए कहा कि शिवसैनिकों की संयम की परीक्षा न लें, वर्ना इसके परिणाम अच्छे नहीं होंगे। नवनीत राणा ने कहा कि शिवसैनिक कहते हैं कि मातोश्री उनके लिए मंदिर है, इसी वजह से वह वहां जाकर हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहती हैं और वह वहां जाकर हनुमान चालीसा का पाठ करेंगी। नवनीत राणा ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के इशारे पर राज्य सरकार पुलिस का सहयोग लेकर उन पर हमला करवाना चाहती है। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री जनहित के काम की बजाय लोगों पर मामला किस तरह दर्ज हो, सिर्फ इतना ही काम कर रहे हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष जयंत पाटिल ने कहा कि नवनीत राणा तथा रवि राणा की ताकत कितनी है, सभी जानते हैं। वे दोनों किसी के इशारे पर महाराष्ट्र का माहौल बिगाड़ने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शिवसेना पहले से बहुत ज्यादा संयमी हो गई है। पुलिस अपना काम कर रही है। जयंत पाटिल ने कहा कि यह सब भगवान को खुश करने के लिए नहीं बल्कि वोट हासिल करने के लिए प्रयास किया जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने कहा कि हनुमान चालीसा का पाठ करना किसी आधार पर गलत नहीं ठहराया जा सकता है। शिवसेना को चाहिए था कि जब राणा दम्पति ने हनुमान चालीसा पढ़ने का चैलेंज दिया था, उन्हें कुर्सी आदि की व्यवस्था कर देनी चाहिए थी। इस मामले को ईगो के रूप में नहीं लेना चाहिए था। राज्य के खाद्यान्न आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल ने कहा कि पहले आवाज आई कि मस्जिदों से अजान आई तो हम हनुमान चालीसा पढ़ेंगे। राणा दम्पति ने इससे बहुत आगे निकलकर मातोश्री पर जाकर हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान कर दिया। छगन भुजबल ने कहा राणा दम्पति यह सब सिर्फ पब्लिसिटी के लिए और महाराष्ट्र में दंगा भड़काने के लिए किसी के इशारे पर कर रहे हैं। इनका प्रयास सिर्फ महाराष्ट्र को बदनाम करने का है। सरकार आती है, जाती है लेकिन यह कौन सा तरीका है किसी के घर पर जाकर हनुमान चालीसा पढ़ेंगे। उल्लेखनीय है कि अमरावती संसदीय क्षेत्र की निर्दलीय सांसद नवनीत राणा तथा निर्दलीय विधायक रवि राणा ने आज सुबह 9 बजे मुंबई में मुख्यमंत्री के आवास मातोश्री पर जाकर हनुमान चालीसा पढ़ने की चुनौती दी थी। इसी वजह से मातोश्री बंगले पर शुक्रवार रात से ही सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। शिवसैनिकों ने मातोश्री बंगले के बाहर घेरा बना दिया है। कानून व्यवस्था न बिगड़े. इसी वजह से राणा दम्पति को उनके ही खार स्थित आवास पर नजरबंद कर दिया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 April 2022

new delhi,Anti-India activities ,Khalistani elements

नई दिल्ली। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ने भारत को आश्वस्त किया है कि वह अपनी भूमि पर खालिस्तानी ताकतों की भारत विरोधी गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं करेगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जानसन से बातचीत के दौरान ब्रिटेन में खालिस्तानी तत्वों की गतिविधियों और भारत के आर्थिक भगोड़ों के वहां पनाह लेने का मामला उठाया था। विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने दोनों प्रधानमंत्रियों की बातचीत के बारे में प्रेस ब्रीफिंग में बताया कि जानसन ने प्रधानमंत्री मोदी को बताया कि उनका देश खालिस्तानी तत्वों की गतिविधियों के संबंध में भारत की चिंताओं के प्रति संवेदनशील है। इस संबंध में ब्रिटेन जीरो टॉलरेंस (कत्तई बर्दाश्त न करने) की नीति अपनाता है। ब्रिटेन की धरती पर किसी ऐसी गतिविधि की अनुमति नहीं दी जाएगी, जिससे भारत और ब्रिटेन के द्विपक्षीय संबंधों पर कोई असर पड़े। विदेश सचिव ने कहा कि बातचीत के दौरान इस बात पर चर्चा हुई कि किस तरह कुछ अवांछनीय लोग लोकतांत्रिक प्रणाली से हासिल होने वाली आजादी और अधिकारों का दुरुपयोग करते हैं। विदेश सचिव ने कहा कि भारत यह भी चाहता है कि ब्रिटेन में पनाह लेने वाले आर्थिक अपराधियों को जल्द से जल्द भारत भेजा जाए जाकि वे यहां न्यायिक प्रक्रिया का सामना कर सकें। यूक्रेन के घटनाक्रम और रूस पर पश्चिमी देशों के आर्थिक प्रतिबंधों के बारे में विदेश सचिव ने कहा कि ब्रिटेन की ओर से भारत पर कोई दबाव नहीं डाला गया। दोनों प्रधानमंत्रियों ने यूक्रेन के घटनाक्रम के बारे में अपना-अपना पक्ष रखा। प्रधानमंत्री मोदी ने जानसन को बताया कि भारत शांति के पक्ष में है। भारत यूक्रेन में युद्ध विराम तथा दोनों देशों के नेताओं के बीच सीधी बातचीत का हिमायती है। भारत का मानना है कि इस समस्या का एकमान्य हल बातचीत और कूटनीति के जरिए ही संभव है। उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन में सक्रिय पृथकतावादियों ने खालिस्तान के समर्थन में ब्रिटेन के कई नगरों में तथाकथित जनमत संग्रह का आयोजन किया था। खालिस्तानी तत्वों ने पृथकतावादी कश्मीरी संगठनों के साथ मिलकर भारतीय उच्चायोग के समक्ष विरोध प्रदर्शन भी आयोजित किए थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 April 2022

new delhi, Delegation level talks,British Prime Minister,  Narendra Modi

नई दिल्ली। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जानसन और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की शुक्रवार को यहां हैदराबाद हाउस में मुलाकात हुई। दोनों नेताओं के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता भी हुई। इस दौरान दोनों देशों के बीच कुछ महत्वपूर्ण समझौते हुए। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जानसन गुरूवार को दो दिवसीय भारत दौरे पर पहुंचे। उनकी यात्रा की शुरूआत गुजरात के अहमदाबाद से हुई। शु्क्रवार सुबह वह राजधानी दिल्ली पहुंचे, जहां राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री मोदी ने उनका जोरदार स्वागत किया। जानसन ने शानदार स्वागत के लिए प्रधानमंत्री मोदी का आभार जताया। उन्होंने कहा, “ मुझे नहीं लगता कि चीजें हमारे बीच (भारत-ब्रिटेन) कभी उतनी मजबूत या अच्छी रही हैं जितनी अभी हैं।' ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने राजघाट जाकर महात्मा गांधी की समाधि पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच हैदराबाद हाउस में प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई। चर्चा है कि जानसन और मोदी के बीच रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध को लेकर भी चर्चा हुई ।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 April 2022

jammu, ISF

जम्मू। जम्मू के सुंजवां इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में आईएसएफ का एक एएसआई शहीद हुआ है। मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकियों को ढेर कर दिया है, जबकि छह अन्य जवान घायल हुए हैं। क्षेत्र में सुरक्षा बलों का अभियान फिलहाल जारी है। जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह सुंजवां के जलालाबाद इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। सूचना मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान चलाया। तलाशी अभियान के दौरान एक जगह पर छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई से पहले सुरक्षाबलों ने आतंकियों को आत्मसमर्पण करने की चेतावनी दी लेकिन आतंकियों ने इसे अनसुना कर दिया और गोलीबारी जारी रखी। इस पर सुरक्षाबलों ने फायरिंग कर दो आतंकियों को मार गिराया। इस मुठभेड़ में सीआईएसएफ के एक एएसआई एसपी पाटिल शहीद हो गए हैं। इस मुठभेड़ में छह जवान भी घायल हुए हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। घायलों की पहचान हेड कांस्टेबल बलराज सिंह निवासी बलोट कठुआ, एसपीओ साहिल शर्मा निवासी ज्यौड़ियां अखनूर, हेड कांस्टेबल प्रमोद पात्रा निवासी ओडिशा, सीआईएसएफ का कांस्टेबल आमिर सोरना निवासी असम, सीआईएसएफ कांस्टेबल बिट्टल और हेड कांस्टेबल सीआईएसएफ आर नितिन निवासी महाराष्ट्र के रूप में हुई है। बताया गया कि सुंजवां में अभी मुठभेड़ जारी है। इसके चलते जम्मू शहर के आसपास सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। शहर के भीतरी एवं बाहरी क्षेत्रों में स्थित नाकों से हर गुजरने वाले वाहनों की सघन तलाशी ली जा रही है। सुरक्षा कारणों के मद्देनजर सुंजवां क्षेत्र में मोबाइल व इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी गई हैं। इसी बीच जम्मू के मुख्य शिक्षा अधिकारी ने 10 प्राइवेट एवं सरकारी स्कूलों को एहतियात के तौर पर बंद रखने का आदेश जारी किया है। इनमें हायर सेकेंडरी स्कूल सुंजवां, हाई स्कूल बठिंडी, आइडीपीएस सुंजवां, आरएम पब्लिक स्कूल चौआदी, हाई स्कूल चौआदी, दून स्कूल, डीएस हेरिटेज, बिरला ओपन माइंड स्कूल, ब्रिटिश इंटरनेशनल स्कूल, जोधामल स्कूल और जीपीएस चौआदी शामिल है। उल्लेखनीय है कि 24 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जम्मू दौरा भी है। इसी के मद्देनजर राज्य में पहले से ही सुरक्षा व्यवस्था हाई अलर्ट पर है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 April 2022

jaipur, Bulldozers ran , 300 year old temples , Alwar district

जयपुर। प्रशासन ने मास्टर प्लान के नाम पर अलवर के राजगढ़ में करीब 300 साल पुराने तीन मंदिरों को बुलडोजर चलाकर गिरा दिया है। कार्रवाई से गुस्साए लोगों ने इसके विरोध में नगर पालिका के ईओ, एसडीएम और राजगढ़ विधायक के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज करवाने के लिए तहरीर दी है, लेकिन अभी तक कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। अतिक्रमण के नाम पर मंदिरों को गिराए जाने के बाद सियासत भी गर्मा गई है। भारतीय जनता पार्टी गहलोत सरकार पर हमलावर हो गई है, वहीं प्रदेश कांग्रेस इसके लिए स्थानीय नगर पालिका के भाजपा बोर्ड को जिम्मेदार ठहरा रही है। उल्लेखनीय है कि अलवर के राजगढ़ क्षेत्र में गौरव पथ निर्माण और मास्टर प्लान के नाम पर अतिक्रमण हटाने की प्रक्रिया चल रही है। इसके तहत ही लगभग 300 साल पुराने तीन मंदिरों, बड़ी संख्या में दुकानों और घरों को तोड़ने की कार्रवाई चल रही है। प्रशासन का कहना है कि मास्टर प्लान के अनुसार राजगढ़ में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई है। सालों से यहां बहुत ज्यादा अतिक्रमण हो गया था। राजस्व रिकाॅर्ड के अनुसार यहां करीब साठ फीट का रास्ता है, जो पच्चीस फीट भी नहीं बचा था। इस कारण जेसीबी से अतिक्रमण हटाया गया है। इधर नगर पालिका बोर्ड अध्यक्ष का कहना है कि यह कार्रवाई प्रशासन के स्तर पर की है, जबकि प्रशासन का कहना है कि नगर पालिका बोर्ड के स्तर पर प्रस्ताव पारित हुआ है। उसके बाद ही अतिक्रमण हटाया गया है। देवी देवताओं की मूर्तियां खण्डित होने से लोगों में नाराजगी हैं, इसके विरोध में लामबंद हुए लोगों को पुलिस ने बलपूर्वक साइट से हटाया। हिंदू समाज ने इसकी शिकायत पुलिस को दी है, लेकिन इस मामले में अभी तक कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। हिंदू समाज ने अपना विरोध प्रकट करते हुए राजगढ़ विधायक जौहरी लाल मीणा, एसडीएम केशव कुमार मीणा और नगर पालिका के ईओ बनवारी लाल मीणा पर साजिश का आरोप लगाया है। कार्रवाई के विरोध में हिन्दू समाज ने थाने पहुंच कर रोष जाहिर किया। बढ़ते विवाद को देखते पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम को हस्तक्षेप करना पड़ा। उन्होंने भरोसा दिलाया है कि वो असंतुष्टों से मिलकर उन्हें समझाने का प्रयास करेंगी। अतिक्रमण के नाम पर मंदिरों को गिराए जाने के बाद सियासत भी गर्मा गई है। स्थानीय कांग्रेस विधायक जौहरी लाल मीणा ने कहा कि राजगढ़ कस्बे में अतिक्रमण हटा है। यहां की नगर पालिका में भाजपा का बोर्ड है। इस कारण वे ज्यादा कुछ नहीं कह सकते हैं। कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने भाजपा पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए पलटवार किया। डोटासरा ने कहा कि 2018 में भाजपा मंडल अध्यक्ष ने कलेक्टर को चिट्ठी लिखकर यह अतिक्रमण हटाने की सिफारिश की थी। राजगढ़ में भाजपा का बोर्ड है। जिसके अध्यक्ष सतीश गुहारिया हैं। बोर्ड बैठक में यह अतिक्रमण हटाने का प्रस्ताव पास किया गया था। उसके बाद ही यह अतिक्रमण हटाया गया है। कांग्रेस की सरकार में मंदिरों के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की जाती, यह भाजपा का एजेंडा रहा है। भाजपा इस मामले को लेकर धार्मिक उन्माद फैलाने का प्रयास कर रही है। दूसरी तरफ भाजपा का कहना है कि विकास के नाम पर मंदिर को तोड़ना सही नहीं है। कांग्रेस बदले की राजनीति कर रही है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने राजगढ़ (अलवर) मंदिर मामले की तथ्यात्मक जांच के लिए पार्टी की पांच सदस्यीय कमेटी का गठन किया है, यह कमेटी मौके पर जाकर तथ्यात्मक रिपोर्ट तैयार कर प्रदेशाध्यक्ष को सौंपेगी। कमेटी में सीकर सांसद सुमेधानंद, प्रदेश उपाध्यक्ष एवं विधायक चंद्रकांता मेघवाल, राजेंद्र सिंह शेखावत, बृजकिशोर उपाध्याय और भवानी मीणा शामिल हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने कहा है कि 300 वर्ष पुराना मंदिर अतिक्रमण कैसे हो सकता है।मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजस्थान की जनता को बहुसंख्यक- अल्पसंख्यक, वोट बैंक-गैर वोट बैंक के चश्मे से देखते हैं। इस तरह पॉलिटिक्स को मुख्यमंत्री आगे बढ़ा रहे हैं। भाजपा सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने कहा कि यह स्पष्ट है कि अशोक गहलोत सरकार हिन्दू विरोधी है। कांग्रेस मंदिरों को तोड़कर हिन्दू आस्था पर चोट मारती रहती है। अलवर के राजगढ़ में नगर प्रशासन ने विकास की आड़ में 300 साल पुराने मंदिर को ध्वस्त कर दिया। आखिर मुख्यमंत्री को हिंदू व उनकी आस्था से इतनी चिढ़ क्यों है?

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 April 2022

new delhi, Maharashtra government ,minister Nawab Malik

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने एनसीपी नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक झटका दिया है। कोर्ट ने नवाब मलिक की ज़मानत याचिका पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि इस स्टेज पर हमें दखल देने की जरूरत नहीं लगती। सुप्रीम कोर्ट ने नवाब मलिक को जमानत के लिए निचली अदालत में जाने को कहा।   मलिक ने याचिका दायर कर मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी की ओर से की जा रही जांच के मामले में रिहाई की मांग की थी। दरअसल 15 मार्च को बांबे हाईकोर्ट ने नवाब मलिक की बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर सुनवाई करते हुए नवाब मलिक को कोई भी राहत देने से इनकार कर दिया था। नवाब मलिक ने याचिका में कहा था कि स्पेशल कोर्ट की ओऱ से हिरासत में भेजने का आदेश पूरी तरह गैरकानूनी है।   बता दें कि ईडी ने 23 फरवरी को आतंकी दाऊद इब्राहिम के खिलाफ दर्ज एफआईआर के मामले में नवाब मलिक को गिरफ्तार किया था। एफआईआर में दाऊद की बहन हसीना पारकर से जुड़े भूमि सौदे के मामले में मलिक को टेरर फंडिंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 April 2022

jammu, Soldiers martyred, terrorist attack , CISF jawans

जम्मू। जम्मू के चठ्ठा कैंप के पास शुक्रवार सुबह केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षाबल (सीआईएसएफ) से भरी बस पर आतंकियों ने हमला कर दिया। इस हमले में एक एएसआई शहीद हो गया और दो जवान गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। सीआईएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार सुबह सीआईएसएफ के 15 जवान बस में सवार होकर मॉर्निंग शिफ्ट में ड्यूटी करने जा रहे थे। इसी दौरान इलाके में पहले से घात लगाकर बैठे आतंकियों ने बस पर हमला कर दिया। इसी बीच सीआईएसएफ के जवानों ने भी आतंकियों का डटकर मुकाबला किया। जवाबी कार्रवाई में एक एएसआई शहीद हो गया और दो अन्य जवान घायल हो गए। घायल जवानों को अस्पताल पहुंचाया गया है। वहीं, हमले के बाद आतंकी भाग निकले। सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर आतंकियों की धर-पकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 April 2022

asam,Police reached ,Jinnesh Mevani , Gujarat to Kokrajhar

कोकराझार (असम)। कोकराझार पुलिस ने गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवाणी को बुधवार रात 11.30 बजे गुजरात के पालनपुर सर्किट हाउस से गिरफ्तार किया था। जिसे आज हवाई जहाज से गुरुवार गुवाहाटी लाया गया। गुवाहाटी से सड़क मार्ग से पुलिस उसे कोकराझार सदर थाना में शाम को लेकर पहुंची। जहां उसका स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया। इसके बाद मेवाणी को कोर्ट में पेशी के लिए ले गए। जहां जज के न पहुंचने के चलते उन्हें न्यायाधीश के आवास ले जाया जा रहा है। उधर, असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एपीसीसी) ने कांग्रेस समर्थित विधायक मेवाणी की जमानत के लिए गुवाहाटी, कोकराझार और धुबरी से कुल नौ अधिवक्ताओं कोकराझार भेजा गया है। इस बीच कोकराझार कांग्रेस कमेटी ने मेवाणी की गिरफ्तारी को लेकर थाने के सामने विरोध-प्रदर्शन करते हुए बिना शर्त रिहा करने की मांग की।   कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने बोड़ोलैंड टेरिटोरियल कांउसिल (बीटीसी) के कार्यकारी पार्षद अरूप कुमार दे के साथ भाजपा और यूपीपीएल के विरुद्ध नारेबाजी की। उधर, मेवाणी की जमानत लेने के लिए कोकराझार पहुंचे कांग्रेस के अधिवक्ताओं का कहना है कि मेवाणी के विरुद्ध एक-दो धाराओं को छोड़कर जितनी भी धाराएं लगाई गयी हैं, वे सब गैर जमानती हैं। इसके बावजूद हम न्यायालय में इसको चुनौती देते हुए जमानत के लिए अपना पक्ष रखेंगे।   उल्लेखनीय है कि विधायक मेवाणी को कोकराझार पुलिस ने असम के कोकराझार में उनके खिलाफ दर्ज एक मामले में बीती रात गुजरात के पालनपुर सर्किट हाउस से गिरफ्तार किया था।   कोकराझार पुलिस ने विधायक की गिरफ्तारी का कारण अभी तक सार्वजनिक नहीं किया है। पता चला है कि विधायक द्वारा कुछ दिन पहले ट्विटर पर प्रधानमंत्री के खिलाफ टिप्पणी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 April 2022

guwahati, Bhupen Bora ,furious over ,Jignesh Mevani

गुवाहाटी। असम पुलिस द्वारा गुजरात के वडगाम विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस समर्थित विधायक जिग्नेश मेवाणी की गिरफ्तारी को लेकर असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एपीसीसी) बेहद नाराज नजर आ रही है। मेवाणी को असम पुलिस की टीम ने बुधवार की रात करीब 11.30 बजे पालनपुर सर्किट हाउस से गिरफ्तार किया है। विधायक के समर्थकों ने कहा कि असम पुलिस ने अभी तक उन्हें एफआईआर की प्रति नहीं दी है, केवल यह कहते हुए कि जिग्नेश मेवाणी के विरुद्ध असम में कुछ मामले दर्ज किए हैं। मेवाणी की गिरफ्तारी पर गुरुवार को असम कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेन कुमार बोरा ने इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की। भूपेन बोरा ने कहा, ‘जिग्नेश मेवाणी आरंभ से ही भाजपा के कड़े आलोचक रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि गुवाहाटी में 12 दिन में 13 हत्याएं हो चुकी हैं और लोगों को उनके घरों के पास गोली मार दी गई, लेकिन असम पुलिस तत्काल कार्रवाई नहीं कर सकी। लेकिन, एक ट्वीट के लिए असम पुलिस ने गुजरात के विधायक जिग्नेश को साजिश के तहत गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने पुलिस से राजनीति से प्रेरित होकर इस तरह का कार्य न करने का आह्वान किया है। भूपेन बारा ने कहा, 'गुजरात में आने वाले दिनों में चुनाव होने वाले हैं, जिग्नेश मेवाणी का वहां प्रभाव है और यह प्रभाव बरकरार रहेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कई वकील उनके लिए कोकराझार गए हैं। असम कांग्रेस उनकी हर प्रकार से मदद करने के लिए तैयार है। हम असम पुलिस के खिलाफ आंदोलन करेंगे। पुलिस जिग्नेश को डराना चाहती है लेकिन वे डरने वाले नहीं हैं। कांग्रेस को सरकार डराना चाहती है लेकिन हम डरने वाले नहीं हैं। अगर हम डर गये होते तो भारत को आजादी नहीं मिलती। इस बीच जिग्नेश मेवाणी ने अपनी गिरफ्तारी के बारे में मीडिया से कहा, ‘मुझे मेरे एक ट्वीट के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने मुझे कोई सटीक जानकारी नहीं दी है। मैं किसी भी झूठे आरोप से नहीं डरता। मैं अपनी लड़ाई जारी रखूंगा।’

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 April 2022

guwahati, Bhupen Bora ,furious over ,Jignesh Mevani

गुवाहाटी। असम पुलिस द्वारा गुजरात के वडगाम विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस समर्थित विधायक जिग्नेश मेवाणी की गिरफ्तारी को लेकर असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एपीसीसी) बेहद नाराज नजर आ रही है। मेवाणी को असम पुलिस की टीम ने बुधवार की रात करीब 11.30 बजे पालनपुर सर्किट हाउस से गिरफ्तार किया है। विधायक के समर्थकों ने कहा कि असम पुलिस ने अभी तक उन्हें एफआईआर की प्रति नहीं दी है, केवल यह कहते हुए कि जिग्नेश मेवाणी के विरुद्ध असम में कुछ मामले दर्ज किए हैं। मेवाणी की गिरफ्तारी पर गुरुवार को असम कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेन कुमार बोरा ने इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की। भूपेन बोरा ने कहा, ‘जिग्नेश मेवाणी आरंभ से ही भाजपा के कड़े आलोचक रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि गुवाहाटी में 12 दिन में 13 हत्याएं हो चुकी हैं और लोगों को उनके घरों के पास गोली मार दी गई, लेकिन असम पुलिस तत्काल कार्रवाई नहीं कर सकी। लेकिन, एक ट्वीट के लिए असम पुलिस ने गुजरात के विधायक जिग्नेश को साजिश के तहत गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने पुलिस से राजनीति से प्रेरित होकर इस तरह का कार्य न करने का आह्वान किया है। भूपेन बारा ने कहा, 'गुजरात में आने वाले दिनों में चुनाव होने वाले हैं, जिग्नेश मेवाणी का वहां प्रभाव है और यह प्रभाव बरकरार रहेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कई वकील उनके लिए कोकराझार गए हैं। असम कांग्रेस उनकी हर प्रकार से मदद करने के लिए तैयार है। हम असम पुलिस के खिलाफ आंदोलन करेंगे। पुलिस जिग्नेश को डराना चाहती है लेकिन वे डरने वाले नहीं हैं। कांग्रेस को सरकार डराना चाहती है लेकिन हम डरने वाले नहीं हैं। अगर हम डर गये होते तो भारत को आजादी नहीं मिलती। इस बीच जिग्नेश मेवाणी ने अपनी गिरफ्तारी के बारे में मीडिया से कहा, ‘मुझे मेरे एक ट्वीट के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने मुझे कोई सटीक जानकारी नहीं दी है। मैं किसी भी झूठे आरोप से नहीं डरता। मैं अपनी लड़ाई जारी रखूंगा।’

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 April 2022

dehradoon, Champawat MLA, Kailash Gahatodi resigns

देहरादून। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के चंपावत विधायक कैलाश गहतोड़ी ने गुरुवार को उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी को अपना इस्तीफा सौंपा। विधानसभा अध्यक्ष ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। इस मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, संगठन महामंत्री अजेय कुमार सहित अन्य नेता उपस्थित रहे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खटीमा से विधानसभा चुनाव हार गए थे। अब इसी सीट से मुख्यमंत्री धामी चुनाव लड़ेंगे।   गुरुवार को यमुना कालोनी स्थित विधानसभा अध्यक्ष के आवास पर चंपावत विधायक कैलाश गहतोड़ी ने पत्रकारों की मौजूदगी में विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी को अपना इस्तीफा सौंपा। विधानसभा अध्यक्ष ऋतू खंडूड़ी ने बताया कि विधायक कैलाश गहतोड़ी का इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया।   इस मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि चंपावत के कार्यकर्ताओं ने बैठक कर प्रस्ताव भेजा था कि चंपावत से मुख्यमंत्री चुनाव लड़ें। कार्यकर्ता और जनता की इच्छा को ध्यान में रखते हुए केंद्रीय नेतृत्व और संगठन ने निर्णय लिया। विधायक गहतोड़ी ने जनता के दिलों पर राज किया है और उन्होंने भी अनेक बार ऐसी इच्छा जाहिर की है। उनका यह मानना है कि मुख्यमंत्री का चुनाव लड़ना चंपावत के विकास में है। हम गहतोड़ी को शुभकामनाएं देते हैं। एक सवाल पर उन्होंने कहा कि उपचुनाव निर्वाचन आयोग पर निर्भर करता है और पार्टी इसके लिए तैयार है।   इस मौके पर कैलाश गहतोड़ी ने कहा कि मैं किसी लायक़ नहीं था लेकिन मेरे संगठन ने मुझे दो-दो बार टिकट दिया। मेरे मातृ संगठन आरएसएस में हजारों-हजार लोग अपने जीवन को राष्ट्र कार्य में लगा रहे हैं। उनसे प्रेरणा लेकर यह मेरा छोटा-सा योगदान है। उत्तराखंड के विकास के लिए और चंपावत की जनता के हित में निर्णय है। मुख्यमंत्री के बगल की सीट थी।इसलिए और ज्यादा भाव आया, उनके लिए इस सीट को खाली करने का। विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा को कम सीट आने की खबरें चल रही थी। ऐसे व्यक्ति को बागडोर मिला और भाजपा भारी बहुमत से चुनाव जीती। अपने क्षेत्र की जनता को धन्यवाद देता हूं कि प्रस्ताव रखने के बाद मुख्यमंत्री को चुनाव लड़ने पर सहमति व्यक्त की।     इस मौके पर मंत्री सौरव बहुगुणा, प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, मंत्री चंदन राम दास, गणेश जोशी, मेयर सुनील यूनियाल गामा, राजपुर विधायक खजान दास, भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष अनिल गोयल, प्रदेश मंत्री आदित्य चौहान सहित अन्य मौजूद रहे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 April 2022

new delhi,  Supreme stay , removal of encroachment , Jahangirpuri upheld

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली के जहांगीरपुरी में अतिक्रमण हटाने पर रोक के आदेश को बरकरार रखा है। जस्टिस एल नागेश्वर राव की अध्यक्षता वाली बेंच इस मामले पर दो हफ्ते बाद सुनवाई करेगी। कोर्ट ने कहा कि सभी लोग एक दूसरे की दलीलों पर जवाब दें। फिलहाल बुधवार का अंतरिम आदेश जारी रहेगा। कोर्ट ने कहा कि हम सभी याचिकाओं पर नोटिस कर रहे हैं। कोर्ट ने कहा कि अगर हमारे आदेश के बाद भी कार्रवाई चलती रही है तो हम इसे भी गंभीरता से लेते हैं। यथास्थिति का आदेश सिर्फ दिल्ली के लिए है। सुनवाई के दौरान वकील दुष्यंत दवे ने कहा कि यह राष्ट्रीय महत्व का मसला है। पहले कभी दंगे के बाद इस तरह की कार्रवाई नहीं हुई है। एक समुदाय को निशाना बनाया जा रहा है। तब सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि इनको केस के तथ्यों पर बात करने के लिए कहिए। यह भाषण का मंच नहीं है। तब कोर्ट ने दवे से कहा कि आप केस पर बात करिए। दवे ने कहा कि कानूनन 5 से 15 दिनों का नोटिस मिलना चाहिए था। ऐसे मामलों में कई बार कोर्ट ने नोटिस की मियाद को बढ़ाया है। बीजेपी नेता ने चिट्ठी लिखी और लोगों को बिना मौका दिए कार्रवाई हो गई। दिल्ली में 1731 अनधिकृत कॉलोनी है। लगभग 50 लाख लोग रहते हैं। लेकिन एक ही कॉलोनी को निशाना बनाया जा रहा है। दवे ने कहा कि 30 साल से ज्यादा पुराने निर्माण को अचानक गिराना शुरू कर दिया। यहां जंगलराज जैसा चल रहा है। सैनिक फार्म और जहां मैं रहता हूं, उस गोल्फ़ लिंक्स में हर दूसरे घर में अवैध निर्माण है। निगम की वहां कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं है जबकि जहांगीरपुरी में प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष की चिट्ठी पर कार्रवाई हो रही है। सुनवाई के दौरान कपिल सिब्बल ने कहा कि अतिक्रमण और अवैध निर्माण पूरे देश की समस्या है लेकिन इसकी आड़ में एक समुदाय को निशाना बना रहे हैं। मध्य प्रदेश के मंत्री ने कहा कि अगर मुसलमान शांत नहीं रहेंगे, तो उनसे कोई रियायत नहीं होगी। यह समय है कि कोर्ट यह संदेश दे कि देश में कानून का शासन है। तब जस्टिस राव ने कहा कि हम देश भर में अतिक्रमण हटाने का अभियान रोकने का आदेश नहीं दे सकते हैं। सिब्बल ने कहा कि मैं बुलडोज़र की बात कर रहा हूं। जिस तरह से सब हो रहा है, यह गलत है। तब कोर्ट ने कहा कि यह काम बुलडोज़र से ही होता है। वैसे हम आपकी बात समझ गए। सुनवाई के दौरान दवे, पीवी सुरेंद्रनाथ, संजय हेगड़े और शमशाद ने कहा कि बुधवार को आए सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी अभियान चलता रहा। तब तुषार मेहता ने कहा कि इलाके में 19 जनवरी से अभियान चल रहा है। अब एक संगठन (जमीयत उलेमा ए हिंद) मामले में कूद गया है। अभी तक स्थानीय लोग हाई कोर्ट नहीं गए, क्योंकि उन्हें पता है कि कागज़ दिखाने पड़ेंगे। मेहता ने कहा कि खरगौन में हिंदुओं की भी 88 संपत्ति तोड़ी गई हैं। इसके नोटिस 2021 में दिए गए थे। यह एक पैटर्न बन गया है कि कोई संगठन मामले में कूदता है, फिर इसे राजनीतिक मसला बना लिया जाता है। सीपीएम नेता वृंदा करात ने दिल्ली के जहांगीरपुरी में कोर्ट के आदेश के बावजूद बुलडोजर के जरिए अतिक्रमण की कार्रवाई करते रहने पर सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका दायर की है। करात का कहना है कि अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई बिना कानूनी प्रक्रियाओं का पालन किए शुरू कर दिया गया। अतिक्रमण हटाने का नोटिस प्रभावित परिवारों को नहीं दिया गया। याचिका में कहा गया है कि अतिक्रमण हटाने के नाम पर सांप्रदायिक तनाव पैदा करने की कोशिश की जा रही है। याचिका में कहा गया है कि जहांगीरपुरी इलाके में अधिकांश गरीब लोग रहते हैं। वहां मुस्लिमों की तादाद ज्यादा है। अतिक्रमण हटाने के लिए गरीब लोगों को ही टारगेट किया गया। वृंदा करात ने याचिका में कहा है कि वो जहांगीरपुरी में 10 बजकर 45 मिनट पर पहुंची थीं। वहां अतिक्रमण की कार्रवाई पर रोक के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद 12 बजकर 25 मिनट तक कार्रवाई की गई, जो कोर्ट के आदेश का उल्लंघन है। जहांगीरपुरी में जूस की दुकान के मालिक गणेश गुप्ता भी सुप्रीम कोर्ट पहुंचे। याचिका में कहा गया है कि उनके पास दुकान के लिए ज़रूरी लाइसेंस थे। दुकान पूरी तरह से वैध थी। इसके बावजूद उनकी दुकान ढहा दी गई। गणेश गुप्ता ने मांग की है कि उन्हें इस नुकसान की एवज में नगर निगम से उचित मुआवजा मिले। उल्लेखनीय है कि 20 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने जहांगीरपुरी में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई पर रोक लगा दिया था। चीफ जस्टिस एनवी रमना की अध्यक्षता वाली बेंच ने ये आदेश दिया था। 20 अप्रैल को वरिष्ठ वकील दुष्यंत दवे ने चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली बेंच के समक्ष इस मामले को मेंशन करते हुए अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि जहांगीरपुरी में अतिक्रमण हटाने की प्रक्रिया असंवैधानिक है। उन्होंने कहा था कि अतिक्रमण हटाने की प्रक्रिया दो बजे दिन में शुरू होने वाली थी लेकिन ये सुबह नौ बजे ही शुरू हो गई। उन्होंने कहा था कि इसके लिए औपचारिक याचिका दायर कर दी गई है। उसके बाद कोर्ट ने अतिक्रमण की कार्रवाई पर रोक लगाने और याचिका पर 21 अप्रैल को सुनवाई करने का आदेश दिया था। उल्लेखनीय है कि 16 अप्रैल को जहांगीरपुरी में शोभायात्रा के दौरान हिंसा हुई थी। इस मामले में अब तक 20 से अधिक गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। उधर, नगर निगम ने अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाकर अतिक्रमण की कार्रवाई का आदेश जारी किया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 April 2022

ahamdabad, British Prime Minister,Boris Johnson

अहमदाबाद। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन इस समय गुजरात के दौरे पर हैं। गुरुवार सुबह ब्रिटिश के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन गांधीजी के साबरमती आश्रम पहुंचे। यहां मंत्रोच्चार के साथ गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने उनका स्वागत किया। गुरुवार को साबरमती आश्रम पहुंचने पर ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को एक चरखे की प्रतिकृति और एक पुस्तक भेंट की गई। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने गांधी आश्रम स्थित गांधीजी प्रतिमा पर सूत की माला का अर्पण किया। बाद में जॉनसन अडानी शांतिग्राम खोरज के लिए रवाना हो गए। तय कार्यक्रम के अनुसार दोपहर के भोजन के बाद जॉनसन शांतिग्राम में अडानी समूह के अध्यक्ष गौतम अडानी से मुलाकात करेंगे। उम्मीद की जा रही है कि दोनों ब्रिटेन में अडानी समूह के संभावित निवेश पर चर्चा करेंगे। इस दौरान जेसीबी के अध्यक्ष लॉर्ड बैमफोर्ड के भी शामिल होने की उम्मीद है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 April 2022

Baramulla, encounter ,Three Lashkar-e-Taiba terrorists killed

बारामुला। जिले के मालवा इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच गुरुवार सुबह से चल रही मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के तीन आतंकियों को मार गिराया है। मारे गए आतंकियों में लश्कर-ए-तैयबा का 12 लाख रुपये का इनामी युसूफ कांतरु भी शामिल है। मुठभेड़ में सुरक्षाबलों के तीन जवान और एक नागरिक भी घायल हुए हैं। घायलों को तुरंत नजदीकी अस्पताल में ले जाया गया है। मुठभेड़ अभी भी जारी है। कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने बताया कि बारामुला के मालवा इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ अभी चल रही है। उन्हाेंने बताया कि लश्कर-ए-तैयबा के 12 लाख रुपये का इनामी दुर्दांत आतंकी युसूफ कांतरु सहित दो अन्य आतंकी मुठभेड़ में मारे गए हैं। मारा गया एलईटी का आतंकी कांतरु बीते माह बड़गाम में एक पुलिस एसपीओ और उसके भाई की हत्या में भी शामिल था। उन्होंने कहा कि शुरूआती गोलीबारी में तीन जवानों और एक नागरिक को मामूली चोटें आई हैं। उनका अस्पताल में इलाज जारी है। उन्होंने बताया कि अभियान अभी जारी है।   दरअसल, बारामुला जिले के मालवा इलाके में बुधवार देर रात आतंकियों की मौजूदगी की पुख्ता सूचना के बाद स्थानीय पुलिस ने सेना तथा सीआरपीएफ के साथ मिलकर क्षेत्र की घेराबंदी की और तलाशी अभियान शुरू किया था। तलाशी के दौरान एक जगह छिपे आतंकियों ने अंधेरे का लाभ उठाते हुए सुरक्षाबलों पर अचानक गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने भी मोर्चा संभालकर फायरिंग करना शुरू कर दिया। मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने लश्कर के तीन आतंकियों को मार गिराया है। इस दौरान तीन जवान और एक नागरिक भी घायल हो गए है। घायलों को तुरंत मौके से निकालकर उपचार के लिए पास के अस्पताल पहुंचाया गया है। सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच अभी भी गोलीबारी चल रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 April 2022

new delhi, no compromise, integrity and unity ,PM Modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरूवार को सिविल सेवा दिवस पर राष्ट्र प्रथम के मंत्र को दोहराते हुए कहा कि हम देश की अखंडता और एकता से कोई समझौता नहीं कर सकते। प्रधानमंत्री मोदी विज्ञान भवन में लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के लिए 16 अधिकारियों को प्रधानमंत्री पुरस्कार प्रदान करने के बाद संबोधित कर रहे थे। प्रधानमंत्री ने कहा कि लोकतंत्र में विभिन्न विचारधाराएं हो सकती हैं लेकिन हमें हमेशा देश की एकता और अखंडता को मजबूत करना चाहिए। देश की एकता को ध्यान में रखते हुए हर फैसला लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि राष्ट्र प्रथम के मंत्र के साथ राष्ट्र का सद्भाव और अखंडता बनाए रखें। हमारे सभी प्रयास राष्ट्र प्रथम, भारत प्रथम से जुड़े होने चाहिए। सिविल सेवकों को लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं के लिए तीन लक्ष्य देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि हम एक लोकतांत्रिक व्यवस्था में है और हमारे सामने तीन लक्ष्य साफ-साफ होने चाहिए। पहला लक्ष्य है कि देश में सामान्य से सामान्य मानवी के जीवन में बदलाव आए, उसके जीवन में सुगमता आए और उसे इसका एहसास भी हो। उन्होंने कहा कि दूसरे लक्ष्य है कि आज हम कुछ भी करें, उसको वैश्विक सन्दर्भ में करना समय की मांग है। प्रधानमंत्री ने तीसरे लक्ष्य को लेकर कहा कि व्यवस्था में हम कहीं पर भी हों, लेकिन जिस व्यवस्था से हम निकले हैं, उसमें हमारी मुख्य जिम्मेदारी देश की एकता और अखंडता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की महान संस्कृति की ये विशेषता है कि हमारा देश राज व्यवस्थाओं और राज सिंहासनों से नहीं बना है। उन्होंने कहा कि जन सामान्य के सामर्थ्य को लेकर चलने की हमारी हजारों साल की परंपरा रही है। आजादी के अमृत महोत्सव में जब देश आजादी के 75 साल मना रहा है ऐसे में यह आयोजन विशेष है। प्रधानमंत्री ने पुरस्कार विजेताओं से कहा कि वे विदेश मंत्रालय और पुलिस विभाग सहित देशभर में स्थित सिविल सेवा से जुड़े तमाम प्रशिक्षण संस्थानों में ट्रेनिंग ले रहे प्रशिक्षुओं को हर सप्ताह एक से डेढ़ घंटे का समय निकालकर वर्चुअल माध्यम से अपने अनुभव साझा करें। उन्होंने कहा कि यदि प्रत्येक सप्ताह ऐसे दो पुरस्कृत अधिकारियों से चर्चा होगी तो आने वाली नई पीढ़ी के अधिकारियों को उनके अनुभवों से काफी मदद मिलेगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसा करना अधिकारियों को लिए भी लाभप्रद होगा और वे इससे जुड़े रहेंगे। प्रधानमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि मैं चाहूंगा कि आजादी के इस अमृत काल में आप अपने डिस्ट्रिक्ट में जो पहले कलेक्टर के रूप में काम करके गए हैं, एक बार अगर हो सके तो उनका मिलने का कार्यक्रम बनाइये। आपके पूरे जिले के लिए वो एक नया अनुभव होगा। इसी तरह राज्यों में जो चीफ सेक्रेटरी के रूप में कार्य करके गए हैं, एक बार राज्य के मुख्यमंत्री उन सबकों बुला लें। देश के प्रधानमंत्री, जितने भी कैबिनेट सेक्रेटरी रहे हैं उनकों बुला लें। हम पिछली शताब्दी की सोच और नीति नियमों से अगली शताब्दी की मजबूती का संकल्प नहीं कर सकते। इसलिए हमारी व्यवस्थाओं, नियमों में, परंपराओं में पहले शायद बदलाव लाने में 30 -40 साल चले जाते होंगे, तो चलता होगा। लेकिन तेज गति से बदलते हुए विश्व में हमें पल पल के हिसाब से चलना पड़ेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 8 साल के दौरान देश में अनेक बड़े काम हुए हैं। इनमें से अनेक अभियान ऐसे हैं जिनके मूल में व्यवहार परिवर्तन है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 April 2022

chandigarh,Pakistan

चंडीगढ़। पाकिस्तान के एक ड्रोन ने बुधवार तड़के भारतीय सीमा में घुसपैठ की। इस ड्रोन को अजनाला सेक्टर के बीओपी भैनियां में गश्त कर रहे बीएसएफ के जवानों ने देखा। बीएसएफ के जवानों ने फायरिंग की। इसके बाद ड्रोन वापस लौट गया। बीएसएफ के अनुसार ड्रोन में कुछ बंधा हुआ था। पाकिस्तान ड्रोन के माध्यम से भारतीय सीमा में नशीले पदार्थ या हथियार गिराना चाहता था। पाकिस्तान की इस साजिश को विफल कर दिया गया। इस घटना के बाद बीएसएफ ने करीब छह घंटे तक भारतीय सीमा में सर्च आपरेशन चलाया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 April 2022

new delhi,

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आयुष क्षेत्र में निवेश बढ़ाने की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि भारत ‘आयुष मार्क’ विकसित कर रहा है जो देश के गुणवत्ता वाले आयुष उत्पादों को प्रामाणिकता प्रदान करेगा। साथ ही उन्होंने पारंपरिक उपचार के लिए भारत आने वालों के लिए आयुष वीजा श्रेणी शुरू करने की भी घोषणा की।   प्रधानमंत्री मोदी बुधवार को गुजरात के गांधीनगर में महात्मा मंदिर में आयोजित वैश्विक आयुष निवेश और नवाचार शिखर सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने भारत के हर्बल प्लांट को ग्रीन गोल्ड की संज्ञा देते हुए कहा कि प्राकृतिक संपदा को मानवता के हित में उपयोग करने के लिए सरकार हर्बल और मेडिसनल प्लांट के उत्पादन को निरंतर प्रोत्साहित कर रही है।   प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में हमने देखा कि मॉर्डन फार्मा कंपनियों और वैक्सीन मैन्यूफैक्चर्स को उचित समय पर निवेश मिलने पर उन्होंने कितना बड़ा कमाल करके दिखाया। कौन कल्पना कर सकता था कि इतनी जल्दी हम कोरोना की वैक्सीन विकसित कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि आयुष के क्षेत्र में निवेश और नवाचार की संभावनाएं असीमित हैं। आयुष दवाओं, सप्लमेन्ट्स और कॉस्मेटिक्स के उत्पादन में हम पहले ही अभूतपूर्व तेज़ी देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि 2014 में जहां आयुष क्षेत्र 3 बिलियन अमेरिकी डालर से भी कम था वो अब बढ़कर 18 बिलियन अमेरिकी डालर पर पहुंच गया है।   उन्होंने कहा कि आयुष मंत्रालय ने ट्रेडिशनल मेडिसिन्स क्षेत्र में स्टार्टअप संस्कृति को प्रोत्साहन देने के लिए कई बड़े कदम उठाएं हैं। कुछ दिन पहले ही अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान के द्वारा विकसित एक ऊष्मायन केंद्र का उद्घाटन किया गया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में तो ये यूनिकॉर्न्स का दौर है। साल 2022 में ही अब तक भारत के 14 स्टार्ट-अप्स, यूनिकॉर्न क्लब में जुड चुके हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि बहुत ही जल्द आयुष के हमारे स्टार्ट अप्स से भी यूनिकॉर्न उभर कर सामने आएंगे।   प्रधानमंत्री ने कहा कि बहुत जरूरी है कि मेडिसिनल प्लांट्स की पैदावार से जुड़े किसानों को आसानी से मार्केट से जुड़ने की सहूलियत मिले। इसके लिए सरकार आयुष ई-मार्केट प्लेस के आधुनिकीकरण और उसके विस्तार पर भी काम कर रही है। उन्होंने कहा कि भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) ने भी पिछले ही हफ्ते अपने नियमों में ‘आयुष आहार’ नाम की एक नयी श्रेणी घोषित की है। इससे हर्बल पोषक तत्वों की खुराक के उत्पादकों को बहुत सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि भारत एक स्पेशल आयुष मार्क भी बनाने जा रहा है। भारत में बने उच्चतम गुणवत्ता के आयुष प्रॉडक्ट्स पर ये मार्क लगाया जाएगा। ये आयुष मार्क आधुनिक टेक्नोलॉजी के प्रावधानों से युक्त होगा। इससे विश्व भर के लोगों को क्वालिटी आयुष प्रॉडक्ट्स का भरोसा मिलेगा।   प्रधानमंत्री ने कहा कि केरल के पर्यटन को बढ़ाने में पारंपरिक औषधि ने मदद की। ये सामर्थ्य पूरे भारत में है, भारत के हर कोने में है। ‘हील इन इंडिया’ इस दशक का बहुत बड़ा ब्रांड बन सकता है। आयुर्वेद, यूनानी, सिद्धा आदि विद्याओं पर आधारित स्वास्थ्य केंद्र बहुत प्रचलित हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि जो विदेशी नागरिक, भारत में आकर आयुष चिकित्सा का लाभ लेना चाहते हैं, उनके लिए सरकार एक और पहल कर रही है। शीघ्र ही, भारत एक विशेष आयुष वीजा कैटेगरी शुरू करने जा रहा है। इससे लोगों को आयुष चिकित्सा के लिए भारत आने-जाने में सहूलियत होगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 April 2022

new delhi, Supreme Court stays , action of  Jahangirpuri

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली के जहांगीरपुरी में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई पर रोक लगा दी है। चीफ जस्टिस एनवी रमना की अध्यक्षता वाली बेंच ने ये आदेश दिया। वरिष्ठ वकील दुष्यंत दवे ने चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली बेंच के समक्ष बुधवार को इस मामले को मेंशन करते हुए अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की। उन्होंने कहा कि जहांगीरपुरी में अतिक्रमण हटाने की प्रक्रिया असंवैधानिक है। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण हटाने की प्रक्रिया आज दो बजे दिन में शुरू होने वाली थी लेकिन ये आज सुबह नौ बजे ही शुरू हो गई। उन्होंने कहा कि इसके लिए औपचारिक याचिका दायर कर दी गई है। उसके बाद कोर्ट ने अतिक्रमण की कार्रवाई पर रोक लगाने और याचिका पर 21 अप्रैल को सुनवाई करने का आदेश दिया।   बता दें कि पिछले 16 अप्रैल को जहांगीरपुरी में शोभायात्रा के दौरान हिंसा हुई थी। जिसमें बीस से अधिक गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। अब नगर निगम ने अवैध निर्माण पर बुल्डोजर चलाकर अतिक्रमण हटाने का आदेश दिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 April 2022

chandigarh, Seven members ,same family , burnt alive

चंडीगढ़। लुधियाना में बुधवार तड़क़े हुए भीषण अग्रिकांड में एक ही परिवार के सात लोग जिंदा जल गए जबकि उन्हें बचाने के चक्कर में चार लोग मामूली रूप से झुलस गए। सभी मृतक बिहार के समस्तीपुर जिला के रहने वाले थे। जानकारी के अनुसार टिब्बा रोड़ स्थित मक्कड़ कालोनी में कई प्रवासी परिवार रहते हैं। इनमें ज्यादातर कबाड़ी का काम करते हैं। मक्कड़ कालोनी में आज सुबह करीब तीन बजे अचानक आग लग गई। जिस समय आग लगी तो ज्यादातर लोग गहरी नींद में थे।   आग लगते ही लोगों में अफरातफरी मच गई और लोग आग पर काबू पाने के साथ-साथ खुद को बचाने में जुट गए। इसी दौरान आसपास भारी भीड़ जमा हो गई। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड तथा पुलिस ने आग पर काबू पाया लेकिन तब तक यहां की एक झुग्गी में रहने वाले सुरेश साहनी के परिवार की मौत हो चुकी थी। आग पर काबू पाने के बाद बाहर निकाले गए मृतकों की शिनाख्त सुरेश साहनी (55), उसकी पत्नी अरुणा देवी (52) बेटी राखी (15), मनीषा (10), गीता (8), चंदा (5) व बेटे दो वर्षीय सन्नी के रूप में हुई है। घटना में परिवार का बड़ा बेटा राजेश बच गया जो रात अपने दोस्त के घर सोने के लिए गया हुआ था। राजेश ने बताया कि वह मूल रूप से बिहार के समस्तीपुर जिला के रहने वाले हैं। उसके पिता सुरेश कुमार कबाड़ का काम करते थे। बीती रात पूरे परिवार ने इकट्ठे खाना खाया और टीवी देखने के बाद सौ गए। घटना की सूचना मिलते ही सिविल अस्पताल से डाक्टरों की टीम, डीसी सुरभि मालिक व पुलिस कमिश्नर कौस्तुभ शर्मा मौके पर पहुंचे। पुलिस ने शवों को बाहर निकाल सिविल अस्पताल पहुंचा दिया है। मृतकों के परिजनों को बिहार में सूचित कर दिया गया है। पुलिस द्वारा फायर ब्रिगेड की मदद से यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि आग किन कारणों से लगी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 April 2022

gujrat,PM Narendra Modi, interacts with Nari Shakti , Banaskantha

दियोदर (बनासकांठा) गुजरात। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को यहां बनास डेयरी कॉम्प्लेक्स में महिला लाभार्थियों से बातचीत की। महिलाओं ने डेयरी उद्योग से हुई आर्थिक समृद्धि पर खुशी जताते हुए अपने अनुभव साझा किए। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा-' मैं आपका अनन्य साथी हूं। आपके साथ काम करना चाहता हूं।' प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटिल भी उपस्थित रहे। महिला लाभार्थियों ने कहा कि दूध की बिक्री से अच्छी कमाई हो रही है। आपके (नरेन्द्र मोदी) प्रधानमंत्री बनने के बाद रसोई का काम आसान हुआ है। उससे पहले लकड़ियां लेने पहाड़ियों पर जाना पड़ता था। अब सिलेंडर मिलने से खाना पकाना आसान हो गया। पहले भोजन पकाने में तीन घंटे का समय लगता था। अब 30 मिनट में भोजन पक जाता है। इन महिलाओं ने कहा कि आप जब गुजरात के मुख्यमंत्री बने तो ज्योतिग्राम योजना शुरू होने से बिजली की समस्या भी खत्म हो गई। प्रधानमंत्री ने महिलाओं से ड्रिप सिंचाई के महत्व और इसके लाभ के बारे में बातचीत की। महिलाओं ने कहा आपने मुख्यमंत्री रहते पानी बचाओ का संदेश दिया था। अब वे इसका महत्व समझने लगी हैं। प्रधानमंत्री ने कहा आजादी के 75 वर्ष होने जा रहे हैं। सरकार हर जिले में बड़ी झील का निर्माण कराने वाली है। महिलाओं ने बनासकांठा में कृषि के क्षेत्र में हुई प्रगतिऔर इसमें अपनी भागीदारी का जिक्र किया। महिलाओं ने खुशी जताई कि कोरोना के टीके निशुल्क लगे हैं। इसी तरह अन्य बीमारियों के टीके भी लगवाए जाएं। महिलाओं ने खुशी जताई कि अब अगर कोई पशु बीमार होता है तो 30 मिनट में एंबुलेंस उनके पास पहुंच जाती है। प्रधानमंत्री ने महिलाओं से मधुमक्खी पालन के महत्व पर भी चर्चा की। इस अवसर पर सहकारिता राज्यमंत्री जगदीश विश्वकर्मा, शिक्षा राज्यमंत्री कीर्तिसिंह वढेला, सांसद परबत पटेल, विधायक शशिकांत पंड्या, मुख्य सचिव पंकज कुमार, इफको अध्यक्ष जीएम शामलभाई पटेल, अध्यक्ष, सीआईएन, अजय पटेल, अध्यक्ष, राज्य सहकारी बैंक और बनासदेरी के सदस्य और बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित रहीं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 April 2022

new delhi, Hearing adjourned t,firecrackers in the country

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने देश भर में पटाखों के इस्तेमाल, बिक्री और खरीदने पर पूरी तरह से रोक लगाने की मांग पर सुनवाई 26 जुलाई तक के लिए टाल दी है। कोर्ट ने कहा कि 26 जुलाई को मामला अंतिम सुनवाई के लिए लिस्ट किया जाएगा। कोर्ट ने कहा कि पहले मुख्य मामले को सुना जाएगा, बाद में अवमानना को। दिवाली आती है और चली जाती है लेकिन कोर्ट में केस लंबित ही रहता है। 29 अक्टूबर, 2021 को कोर्ट ने पटाखों पर अंतरिम आदेश देते हुए कहा था कि दीपावली और अन्य त्योहारों जैसे गुरुपर्व इत्यादि पर रात आठ बजे से दस बजे तक पटाखे चलाए जा सकेंगे। क्रिसमस और नववर्ष के अवसर पर रात 11 बजकर 55 मिनट से रात 12 बजकर तीस मिनट तक पटाखे चलाए जा सकेंगे। कोर्ट ने कहा था कि अगर किसी इलाके विशेष मे प्रतिबंधित सामग्री वाले पटाखों के उत्पादन या बिक्री की बात सामने आती है तो ऐसे में वहां के मुख्य सचिव, गृह सचिव, कमिश्नर, डीएसपी, एसएचओ तक की व्यक्तिगत जिम्मेदारी होगी। इसे गंभीरता से लिया जाएगा। कोर्ट आदेश को धता बताने की इजाज़त नहीं दी जा सकती है। सुप्रीम कोर्ट ने ये भी साफ किया था कि सभी पटाखों पर बैन नहीं है। सिर्फ उन्ही पटाखों पर बैन लगाया गया है, जो ख़ासकर बुजुर्गों और बच्चों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 April 2022

jhunjhunu, Death toll , road accident ,n Jhunjhunu is 11

झुंझुनू। जिले में एक सड़क हादसे में एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत हो गई। इनमें दो किशोर और दो महिलाएं शामिल हैं। हादसे में सात अन्य लोग घायल हुए हैं। सभी घायलों को जिला मुख्यालय के राजकीय बीडीके अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर हादसे पर दुख जताया और मृतक के परिजनों और पीड़ितों के लिए आर्थिक मदद की घोषणा की है। घटना झुंझुनू जिले के गुढागौड़जी के पास लीला की ढ़ाणी के पास की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर हादसे पर दुख जताते हुए मृतक के परिजनों को 2-2 लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये देने की घोषणा की है। राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र, भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नडडा ने घटना पर दुख प्रकट किया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में बढ़ते सड़क हादसों को लेकर बुधवार को रिव्यू बैठक बुलाई है। इसमें दुर्घटना के कारणों और बचाव पर चर्चा की जाएगी। स्थानीय लोगों ने बताया कि परिवार में वृद्ध की मौत हो गई थी। 14 दिन पूरे होने पर परिवार के लोग व रिश्तेदार अस्थियां विसर्जन करने के लिए लोहार्गल गए थे। वापस लौटते समय लीलां की ढाणी व हुकुमपुरा के बीच सड़क किनारे ट्रैक्टर-ट्रॉली खड़ी थी। स्पीड में पिकअप ने ट्रैक्टर को टक्कर मार दी। इसके बाद पलट गई। पिकअप पलटने से हुए दर्दनाक हादसे में तीन भाइयों के परिवार में से दो का पूरा परिवार खत्म हो गया। दर्दनाक हादसे में अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि चार अभी भी गंभीर रूप से घायल स्थिति में है। दुर्घटना में मरने वालों में 8 लोगों के शव को गुढ़ागौड़जी के सरकारी अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है। वही 3 लोगों के शव झुंझुनू अस्पताल की मोर्चरी में रखे हुए हैं। हादसे की सूचना गांव में मिलते ही गांव में सन्नाटा छा गया तथा बाजार में दुकानों के बंद कर दिया गया। ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार कृष्ण नगर तन बड़ाऊ गांव के रहने वाले एक ही परिवार के करीब 20 जने पिकअप में सवार होकर सुबह करीब 9 बजे गांव से लोहार्गल के लिए निकले थे। जो वापस आते समय हादसे का शिकार हो गए। पुलिस के अनुसार हादसे में कैलाश (35) पुत्र गिरधारी लाल यादव, भंवरलाल (35) पुत्र रिछपाल यादव, सुमेर (50) पुत्र गिरधारी लाल यादव, राजबाला (35) पत्नी सुमेर यादव, अर्पित (15) पुत्र शिवकरण यादव, मनोहर (50) पुत्र प्रभात राम, नरेश (16) पुत्र श्रवण यादव और कर्मवीर (20) पुत्र सुमेर की मौके पर मौत हुई है। इलाज के दौरान बलवीर (40) पुत्र रमेश, सावित्री (45) पत्नी श्रवण और राहुल(20) पुत्र सुमेर ने दम तोड़ दिया। विमला तथा ऊषा पत्नी रामजीलाल को जयपुर रेफर किया गया। जबकि जीवनी पत्नी रामजी लाल, विमला पत्नी खेमचंद, हीरा देवी (68) पत्नी रामफल, लक्ष्मी (45) पत्नी सतवीर और कमलेश (30) पत्नी गिरधारी लाल को झुंझुनू के बीडीके अस्पताल में इलाज चल रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 April 2022

new delhi, 10 more suspects, identified , Jahangirpuri violence

नई दिल्ली। उत्तर पश्चिमी जिले के जहांगीरपुरी का एच और के ब्लॉक मंगलवार सुबह बिल्कुल शांत रहा। वहीं, उत्तर पश्चिमी जिला पुलिस एवं अपराध शाखा ने जांच की प्रक्रिया तेज कर दी है। पुलिस ने 10 और संदिग्धों की पहचान की है। इसके साथ ही पुलिस 18 जगहों पर छापेमारी कर रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, पुलिस के समक्ष 30 मोबाइल नम्बर राडार पर है। जिसकी पुलिस बारीकी से जांच कर रही है। वहीं, जांच में खुलासा हुआ है कि जहांगीरपुरी में शोभायात्रा के दौरान मुख्य आरोपित अंसार को फोन करके बुलाया गया था। जिसने अपने 4-5 साथियों के साथ मस्जिद के बाहर पहुंचकर शोभायात्रा में चल रहे लोगों से बहस कर माहौल बिगाड़ा था। सूत्रों की मानें तो जांच की आंच बंगाल तक जा सकती है। फिलहाल दिल्ली पुलिस पश्चिम बंगाल पुलिस से संपर्क कर रही है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार हथियार मुहैया कराने वाले बदमाश गुल्ली का पता चला है। जिसकी तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी की जा रही है।   उल्लेखनीय है कि सोमवार को फॉरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर साक्ष्य इकट्ठा किये थे। मस्जिद के एंट्री गेट पर पड़े कुछ साक्ष्य जुटाए तो मस्जिद की छत पर टीम ने जाकर जांच-पड़ताल की। वहां से भी पुलिस को कुछ चीजें मिली हैं। जिसके बारे में पुलिस अधिकारियों का कहना है कि अभी साक्ष्य एकत्र किये गए हैं जिसमें कई अहम जानकारियां मिली हैं। फिलहाल पुलिस आयुक्त के निर्देश के बाद अपराध शाखा अब इस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 April 2022

Kashmir, Second terrorist attack, security forces, 24 hours

शोपियां। कश्मीर घाटी में पिछले 24 घंटों के भीतर आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर दूसरा हमला किया है। मंगलवार सुबह शोपियां जिले के हरपोरा बटागुंड इलाके में आतंकियों ने हिंदू अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों की सुरक्षा कर रहे सुरक्षाकर्मियों पर गोलीबारी की। गोलीबारी होते ही सुरक्षाकर्मी सतर्क हो गए और उन्होंने जवाबी गोलीबारी की। इस गोलीबारी के बीच आतंकी जान बचाकर मौके से फरार हो गए। हमले में किसी भी सुरक्षाकर्मी को चोट नहीं आई है। हमले के तुरंत बाद एसओजी, सेना व सीआरपीएफ के जवानों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर आतंकियों की धर-पकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। एक शीर्ष पुलिस अधिकारी ने बताया कि आतंकियों ने अल्पसंख्यक गार्ड पर दूर से गोलियां चलाईं, जिसका सुरक्षा कर्मियों ने जवाब दिया। उन्होंने बताया कि इस घटना में किसी के हताहत होने या घायल होने की सूचना नहीं है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 April 2022

ahamdabad,PM inaugurates, Banas Dairy Plant,Gujarat

राधनपुर/अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बनासकांठा को बड़ा तोहफा देते हुए दियोदर में बनास डेरी परियोजना का लोकार्पण किया। इस मौके पर अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि कम बारिश वाले बनासकांठा जिले में कांकराज गाय, मेहसानी भैंस और आलू ने किसानों की किस्मत बदल दी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बनास डेयरी की सहकारी गतिविधियां आत्मनिर्भर भारत की मिसाल हैं। सहयोग के क्षेत्र के साथ विकास की नई यात्रा है। दूध और आलू के बीच कोई मुकाबला नहीं है लेकिन बनास डेयरी ने दूध उत्पादन के साथ आलू उत्पादन संयंत्र का उद्घाटन किया। देखा जा सकता है कि यह एक ऐसा मॉडल है जो किसानों की किस्मत बदल सकता है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बनास डेयरी आलू के अच्छे बीज भी देता है। आत्मनिर्भर भारत के लिए सरकार के अभियान में आपके संगठन का बड़ा योगदान है। बायोगैस और गोबर गैस संयंत्र का आज उद्घाटन किया जा रहा है। गोबर गैस एक साथ कई लक्ष्य हासिल कर रही है। गोबर से बायो सीएनजी बनाई जा रही है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि गांधीनगर में तैयार की गई विद्या समीक्षा 500 करोड़ डेटा का अध्ययन कर रही है। यह केंद्र इतना मजबूत है कि मैं देश के शिक्षा विभाग और भारत सरकार के सभी अधिकारियों से इस केंद्र का दौरा करने और इसे देश के अन्य स्तरों पर लागू करने का आग्रह करता हूं। 600 करोड़ से अधिक की सहायता से निर्मित बनास डेयरी कॉम्प्लेक्स और आलू प्रसंस्करण और उत्पाद इकाई का उद्घाटन, ग्रीनफील्ड प्रोजेक्ट यानी डेयरी कॉम्प्लेक्स से प्रतिदिन 30 लाख लीटर दूध, 80 टन मक्खन, एक लाख लीटर आइसक्रीम, 20 टन गाढ़ा दूध और 6 टन चॉकलेट का उत्पादन होगा। आलू इकाई फ्रेंच फ्राइज़, आलू के चिप्स, आलू के चिप्स और पैटी का उत्पादन करेगी। बनासकांठा में राज्य में सबसे अधिक आलू की खेती और उत्पादन होता है, इकाई का सीधा लाभ किसानों को होगा। इसके अलावा दामा (डीसा) में एक जैविक उर्वरक और बायोगैस संयंत्र का उद्घाटन किया। इसने खिमाना, रतनपुर, भीलडी (राधनपुर) और थावर (धानेरा) में 100 टन के गोबर गैस संयंत्र की आधारशिला भी रखी है।   बनास डेयरी के चेयरमैन शंकर चौधरी ने कार्यक्रम में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने बनासकांठा जिले का मान बढ़ाया है और लोगों को नया विजन दिया है। कृषि में उन्होंने एक नई दृष्टिकोण दी, जिससे उत्पादन में वृद्धि हुई। वहीं उनके मधुमक्खी पालन के विचार से यहां के लोग खुश हैं।   बनास डेरी परियोजना लोकार्पण समारोह में गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने कहा की 'उत्तर गुजरात को बेहतरीन (उत्तम) प्रधानमंत्री ने बनाया है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल ने कहा कि पानी की कमी के कारण खेती और व्यवसाय दुर्लभ थे लेकिन श्वेत क्रांति से आपको जो ताकत मिली है, उसके लिए बधाई।   इसके अलावा बनास डेयरी की विभिन्न परियोजनाओं का ई-समर्पण और ई-खातमुहूर्त भी आयोजन स्थल से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। ई-समर्पण में बनास डेयरी पनीर और व्हे पाउडर प्लांट विस्तार पालनपुर, बनास गोबर गैस प्लांट और बायो सीएनजी शामिल हैं। स्टेशन दामा (डीसा) और ई-खातमुहूर्त में 4 नए कचरा गैस संयंत्र खिमाना, रतनपुरा (भिलड़ी), राधनपुर और थावर (धानेरा) शामिल हैं।   दियोदर में बनास डेयरी का निर्माण जून 2020 में शुरू हुआ। केवल 18 महीने और कोरोना काल की प्रतिकूल परिस्थितियों में एक अत्याधुनिक डेयरी प्लांट बनाया गया है। जिसमें विश्व के 7 विभिन्न देशों की मशीनरी स्थापित की गई है।   प्लांट की दूध प्रसंस्करण क्षमता 30 लाख लीटर प्रतिदिन है, जिसे बढ़ाकर 50 लाख लीटर प्रतिदिन किया जा सकता है। संयंत्र की क्षमता 100 टन प्रतिदिन मक्खन उत्पादन, 1 लाख लीटर प्रतिदिन आईसक्रीम संयंत्र, 20 टन प्रतिदिन खोवा और 6 टन प्रतिदिन चॉकलेट नामांकन संयंत्र की है। डेयरी प्लांट के बगल के परिसर में प्रतिदिन 48 टन आलू को संसाधित करने की क्षमता है। बनास डेयरी कॉम्प्लेक्स में सहकारी क्षेत्र में पहली बार बनास कम्युनिटी एफएम रेडियो 90.4 स्टेशन स्थापित किया जा रहा है, जो सार्वजनिक शिक्षा और पशुपालन में बहुत उपयोगी होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 April 2022

new delhi,Jahangirpuri Violence, Police custody

नई दिल्ली। दिल्ली के रोहिणी कोर्ट ने जहांगीरपुरी हिंसा मामले के दो आरोपितों अंसार और मोहम्मद असलम की पुलिस हिरासत दो दिन के लिए बढ़ा दी। आज दोनों आरोपितों की पुलिस हिरासत की अवधि खत्म हो रही थी। इसलिए पुलिस ने उन्हें कोर्ट में पेश किया। दिल्ली पुलिस ने कहा कि दोनों आरोपितों के पास से हथियार बरामद किए गए हैं। आज दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किए गए सात और आरोपितों को कोर्ट में पेश किया। 17 अप्रैल को कोर्ट ने अंसार और मोहम्मद असलम को आज तक की पुलिस हिरासत और दूसरे 12 आरोपितों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। 17 अप्रैल को दिल्ली पुलिस ने अंसार और मोहम्मद असलम पर हिंसा की साजिश रचने का आरोप लगाया था। दिल्ली पुलिस ने कहा था कि अंसार और असलम को शोभायात्रा की जानकारी 15 अप्रैल को लग गई थी, जिसके बाद उसने हिंसा की साजिश रची। दिल्ली पुलिस ने दोनों से पूछताछ के लिए हिरासत की मांग की थी। दिल्ली पुलिस ने कहा था कि हमें सीसीटीवी फुटेज के जरिये बाकी आरोपितों का पता करना है। 17 अप्रैल को दिल्ली पुलिस ने जिन आरोपितों को कोर्ट में पेश किया था, उनमें अंसार, जाहिद, शहजाद, मुख़्तार अली, मोहम्मद अली, आमिर, अक्सार, नूर आलम, मोहम्मद असलम, ज़ाकिर, अकरम, इम्तियाज़, मोहम्मद अली और अहीर शामिल हैं। पिछली 16 अप्रैल को हनुमान जयंती के मौके पर जहांगीरपुरी में शोभायात्रा के दौरान हिंसा हुई थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 April 2022

new delhi,  Lt Gen Manoj Pandey, next Army Chief

नई दिल्ली। लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे को भारतीय सेना का अगला प्रमुख नियुक्त किया गया है। थल सेनाध्यक्ष बनने वाले लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे कोर ऑफ इंजीनियर्स के पहले अधिकारी होंगे। देश के मौजूदा थल सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे 30 अप्रैल को अपना 28 महीने का कार्यकाल पूरा करेंगे। इस महीने के अंत में जनरल एमएम नरवणे की सेवानिवृत्ति के साथ मनोज पांडे कार्यभार संभालेंगे। रक्षा मंत्रालय ने सोमवार को सेना के वाइस चीफ लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे को अगले सेनाध्यक्ष के रूप में नियुक्त करने के फैसले की घोषणा की है। राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के पूर्व छात्र जनरल पांडे को दिसंबर, 1982 में कोर ऑफ इंजीनियर्स (द बाम्बे सैपर्स) में शामिल किया गया था। लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे ने जम्मू और कश्मीर में नियंत्रण रेखा के साथ पल्लनवाला सेक्टर में ऑपरेशन पराक्रम के दौरान एक इंजीनियर रेजिमेंट की कमान संभाली थी। यह 'ऑपरेशन पराक्रम' पश्चिमी सीमा पर सैनिकों और हथियारों की बड़े पैमाने पर लामबंदी, दिसंबर 2001 में संसद पर हुए आतंकी हमले के बाद चलाया गया था, जिसने भारत और पाकिस्तान को युद्ध के कगार पर ला खड़ा किया। पूर्वी कमान का कार्यभार संभालने से पहले वह अंडमान और निकोबार कमान के कमांडर-इन-चीफ थे। जनरल पांडे ने सेना के 43वें वाइस चीफ की कुर्सी 01 फरवरी, 2022 को संभाली थी। लेफ्टिनेंट जनरल पांडे ने अपने 39 साल के सैन्य करियर में पश्चिमी थिएटर में एक इंजीनियर ब्रिगेड, एलओसी के साथ एक पैदल सेना ब्रिगेड, लद्दाख सेक्टर में एक पर्वतीय डिवीजन और उत्तर-पूर्व में एक कोर की कमान संभाली है। वह स्टाफ कॉलेज, किम्बरली (यूनाइटेड किंगडम) से ग्रेजुएट हैं। उन्होंने आर्मी वार कालेज महू और दिल्ली में नेशनल डिफेंस कॉलेज (एनडीसी) में हायर कमांड कोर्स में भाग लिया। जनरल पांडे ने पश्चिमी लद्दाख के ऊंचाई वाले इलाके में एक माउंटेन डिवीजन और वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के साथ-साथ उत्तर-पूर्व में काउंटर इंसर्जेंसी ऑपरेशंस क्षेत्र में भी एक कोर की तैनाती की कमान संभाली है। मौजूदा सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे इसी माह 30 अप्रैल को अपना 28 महीने का कार्यकाल पूरा करेंगे। जनरल एमएम नरवणे की सेवानिवृत्ति के साथ मनोज पांडे थल सेनाध्यक्ष का कार्यभार संभालेंगे। नरवणे नाम देश का दूसरा चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) पद के लिए सबसे आगे है। सीडीएस जनरल रावत का निधन होने के बाद चीफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी (सीएससी) का अतिरिक्त प्रभार दिए जाने के बाद से ही जनरल नरवणे को औपचारिक रूप से देश का अगला सीडीएस बनाए जाने के संकेत दिए गए थे। अब उनकी सेवानिवृत्ति के बाद देश के अगले सीडीएस के रूप में जनरल नरवणे के नाम का औपचारिक रूप से ऐलान हो सकता है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 April 2022

pulwama, Terrorist attack , RPF jawans

पुलवामा। पुलवामा जिले के काकापोरा रेलवे स्टेशन के पास एक टी स्टाल पर चाय पी रहे रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के जवानों पर आतंकियों ने सोमवार शाम को अचानक हमला कर दिया। इस हमले में आरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया जबकि एक जवान घायल हो गया। सुरक्षाबलों ने आतंकियों की धर-पकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। आतंकी हमले में दो जवान गंभीर रूप से घायल हुए थे, जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। एक जवान ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया जबकि दूसरे जवान का उपचार अस्पताल में जारी है। शहीद जवान की पहचान एसआई देवराज और घायल जवान की पहचान हेड कांस्टेबल सुरेंद्र सिंह के रूप में हुई है। हमले के बाद सुरक्षाबलों ने पूरे क्षेत्र की घेराबंदी कर आतंकियों की धर-पकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। समाचार लिखे जाने तक सुरक्षाबलों का तलाशी अभियान जारी था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 April 2022

ahamdabad,  Prime Minister ,Narendra Modi, visited Vidya Samiksha Kendra

गांधीनगर/अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने तीन दिवसीय गुजरात दौरे पर पहुंच गए हैं। अहमदाबाद हवाईअड्डे पर राज्यपाल, मुख्यमंत्री और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया। प्रधानमंत्री एयरपोर्ट से गांधीनगर के विद्या समीक्षा केंद्र पहुंचे और उसका निरीक्षण किया।यही से प्रधानमंत्री ने राज्य के छात्रों, अभिभावक और शिक्षकों के साथ वर्चुअली संवाद किया। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्वस्तरीय रियल टाइम ऑनलाइन मॉनिटरिंग सेन्टर विद्या समीक्षा केंद्र का दौरा किया। अपने दौरे से पहले प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट कर कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का नाम बदल कर गुजराती भाषा में "विद्या समीक्षा केंद्र" कर दिया था। यहां प्रधानमंत्री ने विद्या समीक्षा केंद्र के निगरानी कक्ष से राज्य के अभिभावक, छात्रों, शिक्षकों, बीआरसी, सीआरसी, तहसील, प्राथमिक शिक्षा अधिकारी आदि के साथ सीधे वर्चुअली तरीके से शिक्षा के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन प्रदान किया। प्रधानमंत्री मोदी के साथ गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल और राज्य के शिक्षा मंत्री जीतू वाघानी साथ थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 April 2022

mumbai,  Hanuman Jayanti ,Shobha Yatra,Delhi sponsored

मुंबई। शिवसेना प्रवक्ता एवं राज्यसभा सदस्य संजय राऊत ने रविवार को आरोप लगाया कहा कि महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की साजिश रची जा रही है। इसी वजह से रामनवमी और हनुमान जयंती के अवसर पर महाराष्ट्र के "नए ओवेसी" ने माहौल बिगाडऩे का प्रयास किया गया। राऊत ने मनसे प्रमुख राज ठाकरे का जिक्र किए बिना कहा कि महाविकास आघाड़ी सरकार ने राज्य के नए ओवेसी के दंगा फैलाने का प्रयास विफल कर दिया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में हनुमान जयंती की शोभायात्रा पर किया गया हमला प्रायोजित था। सांसद राऊत ने रविवार को पत्रकारों से कहा कि देश में इससे पहले कभी भी रामनवमी तथा हनुमान जयंती के मौके पर अशांति फैलाने का प्रयास नहीं किया गया था। उन्होंने भाजपा का जिक्र किए बिना कहा कि चुनाव जीतने के लिए एक पार्टी इस तरह का प्रयास कर रही है। उस पार्टी के पास अब राममंदिर, उरी जैसे विषय नहीं रहे हैं, इसलिए अब भगवान राम तथा भगवान हनुमान का सहारा लिया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के चुनाव में ओवेसी को लाकर जिस तरह की रणनीति बनाई गई थी, उसी तरह की रणनीति महाराष्ट्र में भी रची जा रही है। दिल्ली में शनिवार को हुई घटना के बारे में प्रधानमंत्री क्यों चुप हैं। उन्हें आम जनता से शांति की अपील करनी चाहिए तथा मन की बात में इस पर बात करनी चाहिए। शिवसेना नेता राऊत ने कहा कि मस्जिदों पर लाउडस्पीकर के मुद्दे पर सरकार को निवेदन दिया जाना चाहिए। इस मुद्दे पर चर्चा की जानी चाहिए थी, लेकिन किसी पक्ष विशेष के इशारे पर इस मुद्दे पर आम जनता को भड़का कर सड़कों पर उतार दिया। इनका प्रयास इस मुद्दे पर राज्य में दंगा भडक़ाना था। महाराष्ट्र में दंगा भड़क़ने के बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की साजिश रची गई थी, लेकिन महाराष्ट्र पुलिस ने इस साजिश को विफल कर दिया है। आगे भी इस तरह के प्रयास को विफल किया जाता रहेगा। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सिर्फ विकास कार्यों को महत्व दे रहे हैं, इसलिए विपक्ष की रणनीति फ्लाप साबित हो रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 April 2022

new delhi, 14 accused arrested, Jahangirpuri violence case

नई दिल्ली। शनिवार शाम को जहांगीरपुरी इलाके में हनुमान जंयती की शोभा यात्रा पर एक विशेष समुदाय के व्यक्तियों, महिलाओं और बच्चों ने अपने अपने घरों की छतों और सड़क पर गुट बनाकर अचानक से पत्थराव,गोली व धारदार हथियारों से हमला करके दर्जनों लोगों व पुलिस वालों को गंभीर रूप से घायल कर दिया। घटना में कुछ दुकानों को भी लूट लिया गया। उपद्रवी अपनी बंगाली भाषा में एक दूसरे को निर्देश देकर उपद्रव करते नजर आ रहे थे। करीब एक घंटे तक उपद्रवियों ने शोभा यात्रा में शामिल श्रद्वालुओं पर हमला किया था। घटना के वीडियो में श्रद्धालु खुद को बचाने की कोशिश करते नजर आए थे, लेकिन जब उनको लगा की वो नहीं बच पाएंगे। उसके बाद उन्होंने उपद्रवियों द्वारा फैंके पत्थर ही उनकी तरफ फैंकने शुरू कर दिये। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में इंस्पेक्टर इंवेस्टिगेशन राजीव रंजन के बयान पर दस बजकर 40 मिनट पर एक एफआईआर दर्ज की गई है। जिसमें आईपीसी की धारा 147/148/149/186/353/322/307/323/427/436/27 के तहत मामला दर्ज किया गया है। घटना की कहानी इंस्पेक्टर इंवेस्टिगेशन राजीव रंजन की जुबानी इंस्पेक्टर इंवेस्टिगेशन राजीव रंजन ने एफआईआर में दिये बयान में बताया कि “मैं अपनी पुलिस टीम के साथ हनुमान शोभा यात्रा में तैनात था। हर स्थिति पर नजर बनाए हुए था। शोभा यात्रा पूरी तरह से शांतिपूर्वक चल रही थी। शाम सवा चार बजे शोभा यात्रा ई ब्लॉक जहांगीरपुरी से शुरू हुई थी व बाबू जगजीवन अस्पताल रोड के ब्लॉक,बीसी मार्किट,कौशल चौक, जी ब्लॉक,मंगल बाजार रोड महेन्द्रा पार्क,एक वन मोटर्स मंगल बाजार रोड महेन्द्रा पार्क पर समाप्त होनी थी। शोभा यात्रा पूरी तरह से शांतिपूर्वक तरीके से चल रही थी। लेकिन जब शोभा यात्रा शाम करीब छह बजे पर सी ब्लॉक जामा मस्जिद के पास पहुंची। एक युवक अंसार अपने चार पांच साथियों के साथ आया और शोभा यात्रा में शामिल लोगों से बहसबाजी करने लगा। बहसबाजी ज्यादा होने पर दोनों तरफ से पत्थराव शुरू हो गया,जिसके कारण शोभा यात्रा में भगदड़ मच गई। उन्होंने अपनी टीम के साथ दोनों पक्षों को काफी मशक्कत के बाद समझाकर अलग-अलग करके शांति बनाए रखने की कोशिश की, लेकिन कुछ ही देर बाद अचानक से दोनों पक्षों में दोबारा से बहसबाजी और पत्थराव शुरू हो गया था। हालात बिगड़ते देखकर उन्होंने कंट्रोल रूम में मामले की जानकारी देकर पुलिस बल को तुरंत बुलाया। आला अधिकारियों ने भी मौके पर पहुंचकर शांति बनाए रखने के लिये कई बार लोगों से अपील की थी। लेकिन एक पक्ष द्वारा कहने के बावजूद पत्थराव किया जा रहा था। बेकाबू हो चुके हालत पर काबू करने के लिये 40 से 50 टीयर शैलस छोड़े गए। लोगों को तितर बितर किया गया। इस बीच पत्थराव कर रहे एक पक्ष की तरफ से पत्थराव के बीच गोली चलने लगी। एक गोली सब इंस्पेक्टर मेघा लाल के बायें हाथ में लगी। 6-7 पुलिसकमियों और एक युवक को भी काफी चोट लगी। उपद्रवी भीड़ ने इस बीच एक स्कूटी को आग के हवाले कर दिया। चार से पांच खड़ी गाड़ियों को भी क्षतिग्रस्त किया गया। जो इस कदर शोभा यात्रा पर कुछ असमाजिक तत्वों के द्वारा पथराव कर के गन फायरिंग करके सांप्रदायिक दंगे किये गए। शांति भंग की गई तथा प्राईवेट प्रॉपर्टी को आगजनी करके पुलिस व लोगों को चोट पहुंचाई।   ये लोग उपद्रवियों का हुए शिकार   इंस्पेक्टर राजीव रंजन, सब इंस्पेक्टर मेघा लाल, एएसआई ब्रिज भूषण,एएसआई अरुण कुमार, हेड कांस्टेबल प्रीतम सिंह, हेड कांस्टेबल दिनेश, कांस्टेबल दीपक कुमार, कांस्टेबल सुमन कुमार और एक नागरिक उमा शंकर। इन सभी लोगों के हाथ, पैर, चेहरे, नाक, पेट व पीठ पर चोटें लगी थी। इन सभी का उपचार बाबू जगजीवन राम अस्पताल में करवाया गया था। पुलिस के आला अधिकारियों ने सभी से मुलाकात की और उनको उनकी डयूटी पर जान पर खेलकर शांति बनाने की कोशिश की सरहाना की। पुलिस ने सभी से दंगे के वक्त की जानकारी ली। उनके बयानों को भी नोट करवाया गया था। जहांगीरपुरी इलाके में रविवार को सुरक्षा कड़ी जहांगीरपुरी इलाके में सुरक्षा व्यवस्था को रविवार को हाई अलर्ट पर रखा गया था, जिसमें दो समूहों के लोगों के बीच हुई सांप्रदायिक हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस कर्मियों सहित कई लोग घायल हो गए थे। रविवार सुबह दिल्ली पुलिस ने स्थानीय लोगों के साथ मिलकर इलाके में फ्लैग मार्च निकाला। वहीं आला अधिकारियों और फोरेंसिक टीम व क्रॉइम टीमों ने मौके पर पहुंचकर सबूत इकट्ठा किये। इस बीच दंगे वाले इलाके में किसी भी नेता व राजनीति पार्टियों के लोगों को आने की इजाजत नहीं दी गई थी।   लोगों को गुटों में एकत्र देखकर उनको वहां से हटाया जा रहा था। साथ ही उनसे साक्ष्य एकत्र करने और दंगाईयों के बारे में पूछने की कोशिश की जा रही थी। विशेष पुलिस आयुक्त (सीपी), कानून और व्यवस्था, नई दिल्ली, दीपेंद्र पाठक सहित दिल्ली पुलिस के अधिकांश वरिष्ठ अधिकारी इस रिपोर्ट को दर्ज करने के समय हिंसा स्थल पर मौजूद थे। स्पेशल सीपी ने बताया कि स्थिति अब शांतिपूर्ण और नियंत्रण में है।   अंसार था दंगा भड़काने का मुख्य आरोपित और असलम गोली चलाने वाला   पुलिस अधिकारियों ने बताया कि दंगा भड़काने वाला अंसार था तो पुलिसकर्मियों पर गोली चलाने वाला असलम नाम का युवक था। दोनों जहांगीरपुरी इलाके में अपने अपने परिवार वालों के साथ रहते है। बीते 2020 में असलम आपराधिक मामले में भी शामिल रहा था और सजा काटकर भी आया था। जिससे वारदात में इस्तेमाल पिस्टल भी जब्त की गई है।   पुलिस उसके बारे में और जानकारी लेने की कोशिश कर रही है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अंसार के बारे में इंस्पेक्टर राजीव रंजन और वीडियोग्राफी से मिले सबूत के आधार पर उसको ही मुख्य आरोपित बनाया गया है। इसके अलावा सौ से ज्यादा मिली वीडियों फुटेज के आधार पर आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। सभी आरोपित जहांगीरपुरी के रहने वाले हैं। आरोपितों की पहचान अंसार(35), अकरम(22), जाकिर(22), इम्तियाज(29), जाहिद(22), आतिर(35), मो.अली उर्फ जसोद्दीन(27), शहजाद(37), मुख्तियार अली(28), आमिर(22), असतर(36), नूर असलम(28), मो. असलम उर्फ कुड्डू (22) और मो. अली हसन(22) के रूप में हुई है। अमन शांति कमेटी सहित लोगों से अधिकारियों ने की अपील वरिष्ठ अधिकारी ने इलाके के लोगों से इलाके में शांति बनाए रखने की अपील की है। जिसको लेकर सभी आला पुलिस अधिकारियों ने एक अमन शांति कमेटी और स्थानीय लोगों के साथ बैठक भी की। जिसमें उनको किसी भी अफवाह से बचने और अफवाह फैलाने वाले के बारे में पुलिस को बताने की बात कही। उनको जांच में सहयोग करने और उपद्रवियों के बारे में पता चलने पर पुलिस को खबर आदी देने के बारे में बताया गया। उनको विश्वास दिलवाया गया कि उपद्रवियों को बख्शा नहीं जाएगा और किसी बेकसूर को फसाया नहीं जाएगा। उन्होंने विश्वास दिलवाया कि जैसे अफवाह फैलाई जा रही है कि शोभा यात्रा में पुलिस ने अनदेखी की और पर्याप्त पुलिस बल नहीं था। यह सब गलत बात है इसकी अफवाह फैलाई जा रही है। उन्होंने कहा कि इलाके में वारदात के बाद अर्धसैनिक बलों के साथ पुलिस को भी इलाके में गश्त करते देखा जा सकता है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 April 2022

anantnaag,Army jawan martyred ,Anantnag encounter

अनंतनाग। अनंतनाग जिले के कोकरनाग के वत्नार इलाके में शनिवार दोपहर से आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच जारी मुठभेड़ में सेना का एक जवान शहीद हो गया है। मुठभेड़ अभी जारी है। जिले के कोकरनाग इलाके के वतनार में आतंकियों की मौजूदगी की पुख्ता सूचना मिलने के बाद पुलिस के विशेष दस्ते एसओजी, सेना तथा सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने पूरे इलाके की घेराबंदी करके तलाशी अभियान शुरू किया। इस दौरान इलाके में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों को पास आते देखकर गोलीबारी की, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। शुरुआती मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से सेना की 19 आरआर का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे तुरंत अन्य जवानों ने मौके से निकालकर पास के अस्पताल पहुंचाया, जहां उपचार के दौरान जवान शहीद हो गया। क्षेत्र में दोनों ओर से गोलीबारी अभी जारी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 April 2022

kolkata,Shatrughan Sinha , Asansol, Babul Supriyo ,Ballygunge

कोलकाता। पश्चिम बंगाल उपचुनाव में आसनसोल लोकसभा सीट से तृणमूल नेता शत्रुघ्न सिन्हा और बालीगंज विधानसभा सीट से बाबुल सुप्रियो ने शानदार जीत दर्ज की है। शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने निकटवर्ती भाजपा उम्मीदवार अग्निमित्र पॉल को तीन लाख से अधिक मतों के अंतर से मात दी है, जबकि बाबुल सुप्रियो ने प्रतिद्वंद्वी माकपा उम्मीदवार सायरा शाह हलीम को 20 हजार से अधिक अंतर से हराया है। हालांकि महानगर कोलकाता में माकपा उम्मीदवार हलीम को करीब 39000 वोट मिले हैं जो पार्टी को उत्साहित करने वाले हैं। 76 वर्षीय शत्रुघ्न सिन्हा ने उपचुनाव में लोकसभा सीट से जीत दर्ज करते तृणमूल की झोली में पहली बार यह सीट डाल दी है। इसके साथ ही, बिहार में पटना साहिब से 2019 के लोकसभा चुनाव में हारने के तीन साल बाद शत्रुघ्न सिन्हा की लोकसभा में वापसी होनी है। खास बात यह है कि 2011 में पश्चिम बंगाल की सत्ता पर ममता बनर्जी के आरूढ़ होने के बाद यह पहली बार हुआ है जब आसनसोल संसदीय क्षेत्र में तृणमूल कांग्रेस पहली बार जीत दर्ज करने में सफल रही है। 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में इसी सीट पर भाजपा के टिकट पर बाबुल सुप्रियो ने चुनाव जीता था लेकिन 2021 में विधानसभा चुनाव के समय भाजपा पूरे बंगाल में हार चुकी थी। उसके बाद मोदी मंत्रिमंडल के विस्तार के समय बाबुल सुप्रियो को मंत्रिमंडल से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था, जिसके बाद उन्होंने तृणमूल की सदस्यता ले ली थी। इसके साथ ही सुप्रियो ने संसद से इस्तीफा दे दिया था जिसकी वजह से यहां उपचुनाव हुआ है। बाबुल सुप्रियो से पहले यहां वाममोर्चा का कब्जा था। अब पहली बार तृणमूल कांग्रेस यहां से परचम लहरा चुकी है। आसनसोल संसदीय सीट पर कब्जा बरकरार रखना भारतीय जनता पार्टी के लिए बड़ी चुनौती थी जिसमें भाजपा विफल रही है। शनिवार को सामने आए चुनाव परिणामों के मुताबिक शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने निकटवर्ती भाजपा उम्मीदवार अग्निमित्र पॉल के मुकाबले तीन लाख 534 वोटों के अंतर से जीत दर्ज की है। चुनाव आयोग की ओर से अपडेटेड आंकड़ों के मुताबिक शत्रुघ्न सिन्हा को छह लाख 52 हजार 586 लोगों ने मतदान किया था जबकि अग्निमित्र पॉल को महज तीन लाख 52 हजार 083 लोगों ने वोट किया है। तीसरे नंबर पर माकपा के उम्मीदवार पार्थ मुखर्जी रहे। उन्हें 89 हजार 864 वोट मिले, जबकि कांग्रेस के उम्मीदवार प्रसनजीत पुतंडी को 14 हजार 885 वोट मिले हैं। कांग्रेस उम्मीदवार की जमानत जब्त हुई है। जीत के बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने ममता बनर्जी का आभार जताया और कहा कि यह जीत हमारे कार्यकर्ताओं की है हमारे नेताओं की है, आसनसोल के लोगों की है। उन्होंने कहा कि लोगों ने भारतीय जनता पार्टी को सही सबक सिखाया है। अपनी कोयला खदानों, इस्पात उद्योगों और चित्तरंजन इंजनों के लिए जाना जाने वाला एक औद्योगिक क्षेत्र, पश्चिम बर्दवान जिले में आसनसोल 2011 की जनगणना के अनुसार, कोलकाता के बाद पश्चिम बंगाल का दूसरा सबसे बड़ा और सबसे अधिक आबादी वाला शहर है। आसनसोल के लगभग 15 लाख मतदाता कोयला खदान में काम करने वाले, कारखाने में काम करने वाले और छोटे व्यवसायी हैं। लगभग 45 प्रतिशत मतदाता हिंदी बोलते हैं और झारखंड, बिहार और उत्तर प्रदेश के हैं। इस क्षेत्र में भी लगभग 15 प्रतिशत अल्पसंख्यक आबादी है। फिल्मों में अपने, संवाद अदायगी के लिए प्रशंसकों द्वारा लोकप्रिय रूप से ''शॉटगन'' कहे जाने वाले शत्रुघ्न सिन्हा, जो भाजपा में अपने चार दशक के लंबे कार्यकाल और कांग्रेस में एक संक्षिप्त पारी के बाद तृणमूल में शामिल हुए थे। आसनसोल लोकसभा क्षेत्र अस्सी के दशक के अंत तक काफी हद तक कांग्रेस का गढ़ रहा है। हालांकि 1989 में, यह माकपा का गढ़ बन गया। 2014 के लोकसभा चुनावों में प्रचंड मोदी लहर के दौरान आसनसोल के लोगों ने सुप्रियो को वोट दिया। सुप्रियो जिन्होंने 2014 में 36.75 प्रतिशत वोट शेयर हासिल किया था, वहीं 2019 में अपने वोट शेयर को बढ़ाकर 51.16 प्रतिशत कर दिया। हालांकि, तृणमूल ने 2021 के विधानसभा चुनावों में औद्योगिक क्षेत्र में एक स्थिर और मजबूत सुधार किया, क्योंकि उसने क्षेत्र की सात विधानसभा सीटों में से पांच पर जीत हासिल की। इसके अलावा बाबुल सुप्रियो भी बालीगंज विधानसभा सीट से चुनाव जीत चुके हैं जो ममता कैबिनेट के पूर्व मंत्री सुब्रत मुखर्जी के निधन के बाद खाली हुई थी। चुनाव आयोग की वेबसाइट पर अपडेटेड आंकड़े के मुताबिक उन्हें कुल मतों का 48 फीसदी वोट मिला है और 20 हजार 38 वोटों से जीते हैं। सूत्रों ने बताया कि 19 राउंड की मतगणना के बाद बाबुल सुप्रियो को 50 हजार 996 वोट मिले जबकि उनके मुख्य प्रतिद्वंदी रहे माकपा उम्मीदवार शायरा शाह सलीम को 30 हजार 940 वोट मिले हैं। भाजपा उम्मीदवार केया घोष महज 13 हजार 174 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर हैं जबकि चौथे स्थान पर कांग्रेस उम्मीदवार कमरुजम्मान रहे हैं। हालांकि चुनाव आयोग ने अभी तक अंतिम आंकड़ा अपडेट नहीं किया है, लेकिन बाबुल सुप्रियो ने खुद भी अपनी जीत का दावा किया है और इस जीत को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को समर्पित किया है। उन्होंने कहा कि मैं जिस पार्टी में रहता हूं उसके लिए जान देता हूं। इसके पहले भाजपा में था तो दो गोल किए दो बार सांसद बना। अब तृणमूल के लिए 10 गोल करूंगा। 20 हजार से भी अधिक वोटों से मिली जीत मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को समर्पित करता हूं। उन्होंने भाजपा की हार के लिए लगातार बढ़ रही महंगाई और ईंधन की कीमतों को जिम्मेदार ठहराया है। बाबुल सुप्रियो ने कहा कि आम जनता ने भाजपा के अहंकार को नष्ट कर दिया है। भाजपा की नीतियां देश विरोधी हैं।   उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पहले ही जीत के लिए आम जनता का आभार जताया है। वहीं सांसद अभिषेक बनर्जी ने कहा है कि यह जीत नफरत के खिलाफ जनादेश है। भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा है कि भाजपा के अधिकतर मतदाता वोट देने के लिए नहीं जा सके थे इसलिए तृणमूल जीत सकी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 April 2022

barpeta,Six jihadis arrested, Barpeta

बरपेटा । बरपेटा पुलिस ने गिरफ्तार जेहादियों के पास से 15 मोबाइल हैंडसेट और 21 सिम कार्ड जब्त किए हैं। जेहादियों के पास से अरबी भाषा में लिखी कई किताबें भी जब्त की गई हैं। इस बात की जांच की जा रही है कि क्या जेहाद से किताबों का कोई लेना-देना है या किताबों का क्या रोल है। पुलिस ने शनिवार को बताया कि सभी जेहादियों को अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें 10 दिनों की पुलिस हिरासत में पूछताछ के लिए भेजा गया है। गिरफ्तार सभी जेहादी अल-कायदा इन इंडियन सब-कांटिनेंट (एक्यूआईएस) के एक सहयोगी संगठन बांग्लादेश के अंसारुल बांग्ला से प्रभावित होकर बरपेटा में रहते हुए असम के विभिन्न क्षेत्रों में जेहादी गतिविधियों को जारी रखे हुए थे। बरपेटा पुलिस अधीक्षक अमिताभ सिन्हा ने बताया कि गत पांच मार्च को अन्य सहयोगी के साथ गिरफ्तार मोहम्मद सुमन नामक जेहादी से पूछताछ के बाद छह जेहादियों को गिरफ्तार किया गया। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि वे लोगों को विभिन्न तरीकों से जेहादी गतिविधियों में शामिल होने के लिए उकसा रहे थे। जेहादी अपने घरों से गुप्त रूप से देश विरोधी गतिविधियों को अंजाम दे रहे थे। पुलिस ने बताया कि जेहादी बरपेटा जिला के विभिन्न हिस्सों में कई लोगों को विभिन्न प्रकार से जेहादी गतिविधियों में शामिल करते हुए उनका स्लीपर सेल के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 April 2022

new delhi, Stone pelting , arson on Shobha Yatra, Jahangirpuri

नई दिल्ली। दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में कुशल सिनेमा के पास शनिवार शाम करीब पौने सात बजे हनुमान जन्मोत्सव की शोभायात्रा पर पथराव हुआ है। उपद्रवियों ने यहां पथराव के बाद आगजनी भी की है। इसके बाद दो समुदायों की तरफ से मौके पर एकत्र हुए लोगों ने कई गाड़ियों में तोड़फोड़ की और कुछ गाड़ियों व दुकान को आग के हवाले भी कर दिया। इतना ही नहीं उपद्रवियों के बीच तलवार और डंडे भी भांजे गए। घटना में पुलिसकर्मी समेत दोनों पक्षों के कई लोग घायल हो गए हैं। घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालात को काबू करने के लिए मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है। दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर लॉ एंड ऑर्डर दीपेंद्र पाठक ने बताया कि हालात काबू में है। खबर लिखे जाने तक मौके पर पुलिस बल के साथ वरिष्ठ अधिकारी डटे रहे और हालात का जायजा लेते रहे। घटना के बाद कई थानों से एडिशनल पुलिस फोर्स बुलाई गई है। फोर्स इलाके में मार्च कर रही है। अभी स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। हालांकि इलाके में जबरदस्त तनाव का माहौल है। पुलिस ने बताया कि पथराव रोकने पहुंचे कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।   कुशल सिनेमा से शुरू हुआ बवाल पुलिस के मुताबिक शोभायात्रा जब कुशल सिनेमा के पास पहुंची, तभी पीछे से कुछ लोगों ने इसपर पथराव कर दिया। इसके बाद भगदड़ की स्थिति बन गई। लोग इधर-उधर भागने लगे। इस दौरान वीडियो सामने आए हैं जिसमें अफरा-तफरी का माहौल देखने को मिल रहा है। बताया गया है कि पुलिस ने जब मौके पर स्थिति को संभालने की कोशिश की, तब उपद्रवियों द्वारा उन पर भी हमला किया गया। अभी सब नियंत्रण में : दिल्ली पुलिस कमिश्नर दिल्ली के पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने बताया कि अभी सब नियंत्रण में है। जहांगीरपुरी सहित राजधानी के अन्य संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त बलों की तैनाती की गई है। उन्होंने कहा कि दंगा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जनता अफवाहों और सोशल मीडिया पर फेक न्यूज फैलाने वालों से दूर रहे और पुलिस को सूचित करें। फायर सर्विस की 2 गाड़ियां भी मौके पर भेजी गईं दिल्ली फायर सर्विस के डायरेक्टर अतुल गर्ग का कहना है कि आगजनी की घटनाओं को देखते हुए दिल्ली फायर सर्विस की भी 2 गाड़ियां मौके पर भेजी गई थीं। एक दुकान व दो वाहनों में आग थी, जिस पर तत्काल काबू कर लिया गया था। ऑपरेशन कॉल ऑफ कर दिया गया है और गाड़ियों को वापस बुला लिया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 April 2022

new delhi,Sonia held meeting, senior leaders ,including Rahul, Kharge, Digvijay

नई दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर शनिवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की एक अहम बैठक हुई। बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और दिग्विजय सिंह शामिल रहे। सूत्रों के मुताबिक, सोनिया के दस जनपथ स्थित आवास पर हुई बैठक में सांगठनिक चुनाव के साथ ही पार्टी संगठन को मजबूत बनाने और देश में मौजूदा राजनीतिक हालात पर चर्चा की गई। इस बैठक में सोनिया, राहुल, खड़गे, दिग्विजय सिंह के अलावा संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और अंबिका सोनी उपस्थित रहे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 April 2022

chandigarh, 300 units , electricity free, Punjab

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने ऐलान किया है कि राज्य में एक जुलाई से 300 यूनिट बिजली माफ करने के साथ ही दो किलोवाट तक उपभोक्ताओं के पुराने सभी बकाया बिल भी माफ किए जाएंगे। प्रदेश में आम आदमी पार्टी (आप) सरकार का एक माह पूरा होने पर जारी वीडियो संदेश में मुख्यमंत्री मान ने कहा कि राज्य में दो किलोवाट तक के उपभोक्ताओं के 31 दिसंबर तक के सभी बकाया बिजली के बिल माफ किए जा रहे हैं। इस बीच बिल अदायगी नहीं होने पर अगर किसी का कनेक्शन काटा गया है, तो वह भी तुरंत बहाल किया जाएगा। भगवंत मान ने कहा कि पंजाब में पहले एससी, बीसी, बीपीएल तथा स्वतंत्रता सेनानी परिवारों को 200 यूनिट मुफ्त बिजली मिल रही थी, इसे भी अब बढ़ाकर 300 यूनिट वाली श्रेणी में शामिल कर दिया गया है। इन तीन श्रेणियों के परिवारों को अतिरिक्त सुविधा प्रदान करते हुए मान ने कहा कि अगर एससी, बीसी तथा स्वतंत्रता सेनानी परिवार दो माह में छह सौ यूनिट से अधिक बिजली इस्तेमाल करते हैं, तो उन्हें केवल अतिरिक्त यूनिट का ही बिल भरना पड़ेगा। सब्सिडी बंद किए जाने की अफवाहों पर विराम लगाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार किसानों या अन्य वर्गों को दी जा रही सब्सिडी को बंद नहीं करेगी। यह पहले की तरह जारी रहेगी। मान ने साफ किया कि राज्य में इंडस्ट्रियल एवं कमर्शियल बिजली के रेट में कोई वृद्धि नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि बिजली निगम के अधिकारियों से राज्य के सभी गांवों के संबंध में रिपोर्ट मांगी गई है। इसके बाद अगले दो से तीन साल के बीच सभी गांवों को 24 घंटे बिजली आपूर्ति के साथ जोड़ा जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 April 2022

ayodhya, Vice President ,Venkaiah Naidu, pays obeisance ,Shri Ram Lalla

अयोध्या। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने रामनगरी अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि में रामलला का दर्शन-पूजन किया। वे रामजन्म भूमि पहुंचने वाले देश के पहले उपराष्ट्रपति हैं। इससे पूर्व बीते साल 29 अगस्त को देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द भी अयोध्या आ चुके हैं।   उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू शुक्रवार सुबह 11 बजे प्रेसिडेंसियल एक्सप्रेस से अयोध्या पहुंचे हैं। रामनगरी में अपने चार घंटे के प्रवास के दौरान वे रामलला व हनुमानगढ़ी में दर्शन-पूजन के साथ श्रीराम मंदिर के निर्माण कार्य का प्रजेंटेशन भी देखेंगे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 April 2022

new delhi,PM Modi ,inaugurates, KK Patel Super Specialty Hospital

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से गुजरात के भुज में केके पटेल सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का उद्घाटन किया। इस दौरान अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इलाज के खर्च की चिंता से गरीब को मुक्ति मिलने पर वह निश्चिंत होकर गरीबी से बाहर निकलने के लिए परिश्रम करता है। बीते सालों में हेल्थ सेक्टर की योजनाएं इसी प्रेरणा से लाई गई हैं। आयुष्मान भारत योजना और जनऔषधि योजना से हर साल गरीब और मध्यम वर्ग के परिवारों के लाखों करोड़ रुपए इलाज में खर्च होने से बच रहे हैं। उन्होंने कहा, "देश के हर जिले में मेडिकल कॉलेज के निर्माण का लक्ष्य हो या फिर मेडिकल एजुकेशन को सबकी पहुंच में रखने के प्रयास, इससे आने वाले 10 साल में देश को रिकॉर्ड संख्या में नए डॉक्टर मिलने वाले हैं।"

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 April 2022

mumbai, Shiv Sena ,raised questions , specific leaders

मुंबई। शिवसेना प्रवक्ता तथा राज्यसभा सदस्य संजय राऊत ने मांग की है कि केंद्र सरकार को अति शीघ्र स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर को भारत रत्न देना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसका विरोध कोई भी राजनीतिक दल नहीं करेगा। राऊत ने कहा कि इस समय सिर्फ कुछ विशिष्ट नेताओं की अग्रिम जमानत मिल रही है। इस तरह की राहत महाविकास आघाड़ी के नेताओं को क्यों नहीं मिल रही है, यह अपने आपमें बड़ा सवाल है। शिवसेना नेता राऊत ने गुरुवार को पत्रकारों को बताया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक के सरसंघचालक ने अखंड हिन्दुस्थान की बात की है, उसका स्वागत है लेकिन भाजपा केंद्र सरकार में पहुंचने के बाद देश को विभाजित करने का काम कर रही है। जिन राज्यों में चुनाव होने वाले रहते हैं, वहां पर भाजपा धार्मिक तनाव पैदा कर माहौल बिगाडऩे का काम कर रही है। रामनवमी के पावन पर्व पर भी भाजपा ने इसी तरह का प्रयास किया, जिससे मुंबई सहित कई इलाकों में तनाव की स्थिति बन गई लेकिन पुलिस ने स्थिति नियंत्रित कर लिया है।   संजय राऊत ने कोर्ट पर भेदभाव करने का आरोप लगाया है। संजय राऊत ने कहा कि कोर्ट में पक्षविशेष के विशिष्ट नेताओं को अग्रिम जमानत की दी जा रही है, जबकि इसी तरह की राहत महाविकास आघाड़ी के नेताओं को नहीं मिल रही है। इससे कोर्ट के प्रति जनता में अविश्वास की भावना उभरने लगी है, जो देशहित में नहीं है।   उल्लेखनीय है कि मुंबई बैंक में धोखाधड़ी मामले के आरोपित विधान परिषद के नेता प्रतिपक्ष प्रवीण दरेकर की अग्रिम जमानत की याचिका सेशन कोर्ट ने नामंजूर कर दिया था लेकिन हाई कोर्ट ने प्रवीण दरेकर को अग्रिम जमानत दे दिया है। इसी तरह सेव आईएनएस विक्रांत मामले में सेशन कोर्ट ने भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष किरीट सोमैया तथा उनके बेटे नील सोमैया की अग्रिम जमानत की अर्जी नामंजूर कर दिया था लेकिन इसके बाद हाई कोर्ट ने इन दोनों को अग्रिम जमानत दे दिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 April 2022

mumbai, Two NCB officials ,suspended , cruise drug party case

मुंबई। द कार्डिलिया क्रूज ड्रग पार्टी मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के दो अधिकारियों, विश्व विजय सिंह और आशीष रंजन प्रसाद को सस्पेंड कर दिया गया है। एनसीबी एसआईटी के वरिष्ठ अधिकारी ज्ञानेश्वर सिंह की ओर से इस संबंध में जांच रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद एनसीबी के वरिष्ठ अधिकारियों ने यह बड़ा कदम उठाया है। साथ ही वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अमित गवाटे को मुंबई एनसीबी जोनल डायरेक्टर बनाया गया है। यह पद एनसीबी के पूर्व जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को हटाए जाने के बाद से रिक्त था।   जानकारी के अनुसार एनसीबी की मुंबई टीम ने 2 अक्टूबर को द कार्डिलिया क्रूज शिप पर ड्रग पार्टी के नाम पर छापा मार कर 20 लोगों को गिरफ्तार किया था। इनमें फिल्म अभिनेता शाहरुख खान का बेटा आर्यन खान भी शामिल था। यह कार्रवाई तत्कालीन मुंबई एनसीबी टीम समीर वानखेड़े के नेतृत्व में की गई थी और आशीष रंजन प्रसाद और वी. वी. सिंह जांच करने वाली टीम का भी हिस्सा थे। एनसीबी की कार्रवाई पर राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रवक्ता, मंत्री नवाब मलिक ने सवाल उठाया था। इसके बाद इस मामले के गवाह प्रभाकर साईल ने आर्यन खान पर मामला दर्ज करने से पहले शाहरुख खान से रंगदारी मांगने और मांग पूरी न होने पर मामला दर्ज करने का आरोप लगाया था। नवाब मलिक ने पत्रकार वार्ता कर एनसीबी पर कई मामलों में गलत तरीके मामला दर्ज करने का आरोप लगाया था। इसी वजह से एनसीबी के वरिष्ठ अधिकारियों ने इन मामलों की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया था और वरिष्ठ अधिकारी ज्ञानेश्वर सिंह को जांच सौपी गई थी। ज्ञानेश्वर सिंह के नेतृत्व में अभी भी मामले की जांच जारी है और अब तक रिपोर्ट के आधार पर दोनों अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 April 2022

chandigarh, Government ,

चंडीगढ़। पंजाब की 'आम आदमी' सरकार भी अब लग्जरी गाड़ियों में सफर करेगी। बहुत जल्द राज्य के मंत्री लग्जरी फॉच्यूर्नर गाड़ियों में सवार होंगे। वित्तीय संकट से जूझ रही पंजाब सरकार ने मंत्रियों की गाड़ियों की खरीद के लिए खजाने से 18 करोड़ रुपये की मांग की है। सरकार के इस फैसले पर कांग्रेस ने सवाल खड़े कर दिए हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने 16 मार्च को शपथ ग्रहण की थी। उसके बाद 19 मार्च को नए मंत्रिमंडल का गठन किया गया। अभी तक मुख्यमंत्री तथा मंत्री पुरानी गाड़ियों से ही काम चला रहे हैं। तर्क दिया गया है कि वर्तमान में मंत्रियों के काफिले में चल रही ज्यादातर गाड़ियां अपना जीवनकाल पूरा कर चुकी हैं। राज्य सरकार कैबिनेट मंत्रियों के लिए फॉच्यूर्नर गाड़ियों के अलावा कुछ इनोवा गाड़ियां भी खरीदने जा रही है। यह इनोवा क्रिस्टा गाड़ियां विधायकों तथा सीएम कार्यालय के साथ जुड़े अधिकारियों को दी जाएंगी। भगवंत मान सरकार में वित्त मंत्री हरपाल चीमा तथा महिला एवं बाल विकास मंत्री डॉ. बलजीत कौर को पहले ही फॉच्यूर्नर गाड़ी दी जा चुकी है। अन्य कैबिनेट मंत्रियों के पास 2016 से लेकर 2021 मॉडल की इनोवा क्रिस्टा गाड़ियां हैं। इन मंत्रियों को नई गाड़ियां देने को लेकर परिवहन विभाग द्वारा फाइलें तैयार करके वित्त विभाग को भेजी जा चुकी हैं। मंत्रियों को नई गाड़ियां दिए जाने की खबर मिलते ही कुछ विधायक सक्रिय हो गए और उन्होंने बाकायदा परिवहन मंत्री को आवेदन देकर अपनी पुरानी गाड़ियां बदलने की मांग रखी। परिवहन विभाग ने मंत्रियों तथा विधायकों की संयुक्त मांग पर एक ड्राफ्ट तैयार करके वित्त विभाग को भेज दिया है। वित्त विभाग ने संबंधित कंपनियों से कुटेशन भी मंगवा ली हैं जिसके आधार पर गाड़ियों की खरीद के अनुमानित बजट को अंतिम रूप दिया जाएगा। मुख्यमंत्री द्वारा गाड़ियों की खरीद को लेकर सहमति दी जा चुकी है।   पंजाब सरकार के इस फैसले पर आपत्ति जताते हुए कांग्रेस विधायक एवं पूर्व मंत्री परगट सिंह ने कहा कि पंजाब के आप विधायकों को वीआईपी बनने की जल्दबाजी है। मंत्री और विधायक लग्जरी गाड़ियों की मांग रहे हैं। पंजाब पहले ही तीन लाख करोड़ के कर्ज तले दबा हुआ है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 April 2022

kolkata,  Police filed ,FIR against, father of victim ,Nadia rape case

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के नदिया जिला अंतर्गत खासखाली में नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म के बाद मौत के मामले में अब राज्य प्रशासन ने पीड़िता के पिता को ही नामजद कर प्राथमिकी दर्ज कर ली है। जिला पुलिस सूत्रों ने बताया है कि दुष्कर्म की जांच हाईकोर्ट द्वारा सीबीआई को सौंप दिए जाने के बाद पुलिस ने यह प्राथमिकी अलग से दर्ज की है, जिसमें पीड़िता के पिता और परिवार के अन्य सदस्यों को नामजद करते हुए साक्ष्यों को मिटाने के दावे किए गए हैं। पुलिस की ओर से दर्ज किए गए मामले में इस बात का जिक्र किया गया है कि बिना मृत्यु प्रमाणपत्र बच्ची का अंतिम संस्कार किया गया और साक्ष्यों को खत्म किया गया है। इसमें गैर जमानती धाराएं लगी हैं इसलिए पीड़िता के पिता की गिरफ्तारी की भी आशंका है।   उल्लेखनीय है कि दुष्कर्म को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी संवेदनहीन बयान देते हुए कहा था कि लड़की लव अफेयर में थी और गर्भवती थी। उसके बाद उनके दो सांसद महुआ मित्रा और सुखेंदु शेखर रॉय भी परिवार को दोषी ठहरा चुके हैं। अब पुलिस ने भी पीड़िता के घरवालों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 April 2022

amrawati, Andhra Pradesh, Massive fire,chemical factory, six killed

अमरावती। आंध्र प्रदेश के मुसुनुरू मंडल के आखिरी गुडेम स्थित पोरस केमिकल फैक्ट्री में बुधवार देर रात भीषण आग लगने के कारण पांच लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी, जबकि बुरी तरह से झुलसे एक व्यक्ति ने अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया। जानकारी के मुताबिक मृतक सभी बिहार के रहने वाले बताए गए हैं। हालांकि आधिकारिक रूप से अभी मृतकों पहचान नहीं हुई है। पुलिस और एनडीआरएफ के दल ने घटनास्थल पर पहुंचकर आग पर काबू पाया। हादसे में 13 घायलों को विजयवाड़ा के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इन सभी की हालत काफी गंभीर बतायी जा रही है। जानकारी के मुताबिक दुर्घटना के समय 150 से अधिक कर्मचारी रासायनिक कारखाने में रात की शिफ्ट में काम कर रहे थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 April 2022

new delhi,PM Modi ,inaugurates ,Prime Minister

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि प्रधानमंत्री संग्रहालय आने वाली पीढ़ियों के लिए ज्ञान, विचार, अनुभवों का द्वार खोलने का काम करेगा। यहां आकर उन्हें जो जानकारी मिलेगी और जिन तथ्यों से वो परिचित होंगे, वो उन्हें भविष्य के निर्णय लेने में मदद करेगी। उन्होंने कहा कि देश के हर प्रधानमंत्री ने संविधान सम्मत लोकतंत्र के लक्ष्यों की पूर्ति में भरसक योगदान दिया है। उन्हें याद करना स्वतंत्र भारत की यात्रा को जानना है। प्रधानमंत्री मोदी ने प्रधानमंत्री संग्रहालय के उद्धाटन अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि देश आज जिस ऊंचाई पर है, वहां तक उसे पहुंचाने में स्वतंत्र भारत के बाद बनी प्रत्येक सरकार का योगदान है। मैंने लाल किले से भी ये बात कई बार दोहराई है। आज ये संग्रहालय भी प्रत्येक सरकार की साझा विरासत का जीवंत प्रतिबिंब बन गया है। उन्होंने भारत रत्न डॉ भीमराव अंबेडकर के योगदान की सराहना करते हुए कहा कि बाबा साहेब जिस संविधान के मुख्य शिल्पकार रहे, उस संविधान ने हमें संसदीय प्रणाली का आधार दिया। इस संसदीय प्रणाली का प्रमुख दायित्व देश के प्रधानमंत्री का पद रहा है।         उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री संग्रहालय आने वाले लोग देश के पूर्व प्रधानमंत्रियों की योगदान से रूबरू होंगे । उनकी पृष्ठभूमि, उनके संघर्ष और सृजन को जानेंगे। उन्होंने कहा कि ये देश को युवाओं को भी विश्वास देता है कि भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था में सामान्य परिवार में जन्म लेने वाला व्यक्ति भी शीर्षतम पदों पर पहुंच सकता है। मोदी ने कहा कि ये हम भारतवासियों के लिए बहुत गौरव की बात है कि हमारे ज्यादातर प्रधानमंत्री बहुत ही साधारण परिवार से रहे हैं। सुदूर देहात के एकदम गरीब, किसान परिवार से आकर भी प्रधानमंत्री पद पर पहुंचना भारतीय लोकतंत्र की महान परंपराओं के प्रति विश्वास को दृढ़ करता है।   प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि भारत लोकतंत्र की जननी है। भारत के लोकतंत्र की बड़ी विशेषता ये भी है कि समय के साथ इसमें निरंतर बदलाव आता रहा है। हर युग में, हर पीढ़ी में, लोकतंत्र को और आधुनिक बनाने, सशक्त करने का निरंतर प्रयास हुआ है। एक दो अपवाद छोड़ दें तो हमारे यहां लोकतंत्र को लोकतांत्रिक तरीके से मजबूत करने की गौरवशाली परंपरा रही है। इसलिए हमारा भी ये दायित्व है कि अपने प्रयासों से लोकतंत्र को मजबूत करते रहें ।   मोदी ने कहा कि हम तो उस सभ्यता से हैं जिसमें कहा जाता है, “आ नो भद्राः क्रतवो यन्तु विश्वतः” यानि हर तरफ से नेक विचार हमारे पास आएं । हमारा लोकतंत्र हमें प्रेरणा देता है, नवीनता और नए विचारों को स्वीकारने की । आज जब एक नया वर्ल्ड ऑर्डर उभर रहा है, विश्व, भारत को एक आशा और विश्वास भरी नजरों से देख रहा है, तो भारत को भी हर पल नई ऊंचाई पर पहुंचने के लिए अपने प्रयास बढ़ाने होंगे।   प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के इतिहास की महानता से, भारत के समृद्धि काल से हम सभी परिचित रहे हैं। हमें इसका हमेशा बहुत गर्व भी रहा है। भारत की विरासत से और भारत के वर्तमान से, विश्व सही रूप में परिचित हो, ये भी उतना ही आवश्यक है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 April 2022

hydrabad,  Big relief, Asaduddin Owaisi , hate speech case

हैदराबाद।नफरत वाला भाषण देने को लेकर मजलिस ए इत्तित्तेहादुल मुस्लिमीन (एम आई एम आई एम) पार्टी के विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी के खिलाफ दर्ज मामले में आज हैदराबाद के विशेष अदालत ने बुधवार को फैसला सुनाया। हैदराबाद की विशेष अदालत ने बुधवार को अकबरुद्दीन ओवैसी को 10 साल पुराने मामले में कोर्ट ने बरी कर दिया है. सांसदों और विधायकों के खिलाफ सुनवाई करने वाली विशेष सत्र अदालत ने कहा की मामले में तकनीक एविडेंस की गई लेकिन निजामाबाद और निर्मल पुलिस अरूप पत्र में दाखिल अरूप को साबित करने विफल रही।सेशंस जज ने अपने फैसले में भविष्य में ऐसे भड़काव भाषण न देने की हिदायत दी ।अदालत ने कहा की इस बरी किए गए फैसले को अपना विजई नहीं मानना चाहिए बल्कि यह समझे की अदालत उन्हें क्षमा कर रही है। विधायकों सांसदों के खिलाफ सुनवाई करने वाले विशेष सत्र अदालत ने इससे पहले फैसला सुनाने को कल मंगलवार को तय किया था लेकिन बचाव पक्ष और अभियोजन पक्ष के वकील की दली को सुनने के बाद अदालत ने फैसला आज बुधवार तक टाल दिया था। तेलंगाना विधानसभा के विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के नेता है अकबरुद्दीन के खिलाफ निजामाबाद और निर्मल के कथित रूप से नफरत फैलाने वाला भाषण देने का मामला वर्ष 2012 में दर्ज किया गया था इस मामले की सुनवाई को लेकर विधायक अकबर मंगलवार को अदालत के समक्ष पेश हुए। अकबरुद्दीन के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था। अकबरुद्दीन पर सार्वजनिक भाषण के दौरान एक समुदाय के विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक और भड़काने वाली भाषण का इस्तेमाल करने का आरोप लगा है अकबर ने कथित रूप से नफरत फैलाने वाला भाषण निजामाबाद के 8 दिसंबर 2012 को और निर्मल कस्बे में 22 दिसंबर 2012 को भाषण दिया था इसके बाद उन्हें गिरफ्तार की गई थी। लेकिन वह जमानत पर जेल से बाहर रहे अपराध जांच शाखा सीआईडी में निजामाबाद मामले की जांच करके वर्ष 2016 में आरोप पत्र दाखिल किया था इसी तरह निर्मल मामले में भी जिला अदालत में वर्ष 2016 में आरोप पत्र दाखिल की गई थी। इस बीच अदालत की करवाई और फैसले के चलते अद्भुत की पुरानी शहर में पुलिस ने सुरक्षा बड़ा दिया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 April 2022

kushinagar,3 killed ,boat capsizes, Narayani river

कुशीनगर। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के खड्डा थाना क्षेत्र में नारायणी नदी में बुधवार सुबह 10 यात्रियों से भरी एक नाव पलट गयी। इनमें से सात को बचा लिया गया है, जबकि तीन लोग डूब गए हैं। तीनों के शव बरामद कर लिए गए हैं। मृतकों में एक महिला और दो युवतियां हैं। पुलिस के मुताबिक आज सुबह कुछ ग्रामीण अपने खेत से गेंहू की कटाई करने नाव से नारायणी नदी पार कर दूसरी छोर पर जा रहे थे। इसी बीच सालिकपुर के समीप ग्रामीणों से भरी नाव पलट गई। घटना की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन और एनडीआरएफ की टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर राहत एवं बचाव कार्य शुरू किया। कड़ी मशक्कत के बाद सात लोगों को बचाया जा सका। जिलाधिकारी एस. राजलिंगम ने बताया कि मृतकों के परिजनों को दैवी आपदा के तहत सहायता राशि दी जाएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 April 2022

hydrabad,  Girls , arrived wearing hijab ,admission in classes

हैदराबाद। हिजाब विवाद का मामला कर्नाटक के उडुपी से निकलकर हैदराबाद के स्कूलों तक भी पहुंच गया। आज हैदराबाद पुराने शहर के बहादुरपुरा में स्थित गौतम स्कूल में हिजाब पहनकर पहुंची छात्राओं को कक्षाओं में प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई। विवाद बढ़ने पर पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा। हैदराबाद पुराने शहर के बहादुरपुरा में स्थित गौतम स्कूल में आज कुछ छात्राएं हिजाब पहनकर पहुंची लेकिन उन्हें कक्षाओं में प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई। इसके विरोध में छात्राओं और उनके अभिभावकों ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी और तोड़फोड़ की। स्कूल प्रबंधन ने पुलिस में मामला दर्ज किया है। विवाद बढ़ने पर पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा जिसमें कुछ अभिभावकों और छात्राओं को साधारण चोट आई। इस विवाद की शुरुआत उडुपि से हुई थी जहां एक कॉलेज में कुछ मुस्लिम लड़कियों के हिजाब पहनने पर हंगामा हुआ और सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हुए। वीडियो में केसरिया पटका पहनकर हिजाब के ख़िलाफ़ प्रदर्शन करने वाले लोगों को दिखाया गया था। इसके बाद दोनों तरफ़ से छात्रों के बीच सोशल मीडिया पर अपने धार्मिक चिन्हों को दिखाने की होड़ लग गई थी, इसकी वजह से तनाव पैदा हुआ और कुछ स्थानों पर हिंसा हुई। विरोध प्रदर्शन कर रहे कुछ अभिभावकों का कहना है कि उनसे बातचीत कर मामला हल कर सकते थे परंतु स्कूल प्रबंधन ने सीधा पुलिस को सूचित कर छात्रों को भयभीत करने का गलत व्यवहार किया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 April 2022

new delhi, Welfare poor ,our top priority, PM Modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को कहा कि गरीबों का कल्याण हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान भी हम इसके लिये संकल्पित रहे हैं। मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना ने हमारे देशवासियों को आश्वस्त किया है कि सरकार हर मुसीबत में उनके साथ खड़ी है। प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, "गरीबों का कल्याण ही हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। कोरोना महामारी के दौर में भी हम इसे लेकर प्रतिबद्ध रहे। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना ने देशवासियों को आश्वस्त किया है कि सरकार हर मुसीबत में उनके साथ खड़ी है।"

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 April 2022

new delhi, Approval for construction,ropeway , Katra to Ardhquanri

नई दिल्ली।माता वैष्णो देवी यात्रा को सुगम बनाने के लिए कटरा से अर्धकुमारी के बीच रोपवे बनाने के बहुप्रतीक्षित प्रस्ताव को औपचारिक मंजूरी प्रदान कर दी गई है। श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की 69वीं बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। बैठक में बोर्ड के अध्यक्ष जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा मौजूद थे। बोर्ड के सदस्य दिल्ली के उद्यमी एमिल फार्मास्युटिकल्स के चेयरमैन के. के. शर्मा ने बुधवार को बताया कि लंबे समय से इस प्रस्ताव पर चर्चा चल रही थी। दरअसल, बोर्ड ने 2012 में पहली बार 51वीं बैठक में रोपवे की संभावनाएं तलाशने के लिए रेलवे के उपक्रम राइट्स से अध्ययन कराने का फैसला लिया था। राइट्स ने 2017 में अपनी रिपोर्ट बोर्ड को सौंपी थी जिसमें कटरा से अर्धक्वांरी मंदिरके बीच रोपवे के निर्माण को उपयुक्त पाया था। उसके बाद से यह प्रस्ताव लगातार लंबित चल रहा था जिसे नवगठित बोर्ड की मंगलवार को हुई पहली बैठक में ही मंजूरी प्रदान की गई। प्रस्ताव के अनुसार कटरा से अर्धक्वांरी के बीच 1281.20 मीटर लंबे रोपवे का निर्माण किया जाएगा जिसकी ऊंचाई अधिकतम 590.75 मीटर तक होगी। इसके जरिये प्रति घंटे एक तरफ 1500 यात्रियों को ले जाना संभव होगा तथा केबिन क्षमता आठ यात्रियों की होगी। जबकि इसके निर्माण पर करीब 94.23 करोड़ रुपये का खर्च आने का अनुमान है। राइट्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि यदि प्रति यात्री आने जाने का शुल्क 200 रुपये रखा जाता है तो 63 फीसदी संचालनात्मक लागत वसूल हो सकती है। शर्मा ने कहा कि बोर्ड की बैंठक में प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के बाद अब इस पर आगे का कार्य जल्दी आरंभ होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 April 2022

new delhi,  Punjab CM, calls on Vice President

नई दिल्ली। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने मंगलवार को उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू से शिष्टाचार भेंट की। उपराष्ट्रपति के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से मुलाकात की तस्वीर साझा करते हुए ट्वीट किया, “पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू से उपराष्ट्रपति निवास में मुलाकात की।” पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने इससे पहले राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द से राष्ट्रपति भवन में मुलाकात की। भगवंत मान आज आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भी मुलाकात करेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 April 2022

new delhi,130 crore countrymen, PM Modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि भारत स्वास्थ्य के क्षेत्र में नई कीर्तिमान स्थापित कर रहा है चाहे वह दुनिया का सबसे बड़ा नि:शुल्क टीकाकरण हो या चिकित्सा अवसंरचना का विकास। मोदी ने कहा है कि 130 करोड़ देशवासियों ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जो संकल्प दिखाया है, वह न्यू इंडिया की ताकत का संकेत है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, “कोरोना से लड़ाई में 130 करोड़ देशवासियों ने जिस संकल्प शक्ति का परिचय दिया है, वो नए भारत के सामर्थ्य की पहचान है। स्वदेशी टीकों के साथ विश्व का सबसे बड़ा मुफ्त वैक्सीनेशन अभियान हो या मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास, स्वास्थ्य के क्षेत्र में देश नित नए मानदंड स्थापित कर रहा है। कोरोना से लड़ाई में 130 करोड़ देशवासियों ने जिस संकल्प शक्ति का परिचय दिया है, वो नए भारत के सामर्थ्य की पहचान है। स्वदेशी टीकों के साथ विश्व का सबसे बड़ा मुफ्त वैक्सीनेशन अभियान हो या मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास, स्वास्थ्य के क्षेत्र में देश नित नए मानदंड स्थापित कर रहा है।”

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 April 2022

devghar, Airforce personnel, rescued seven tourists , third day

देवघर। देवघर में त्रिकुट पर्वत पर रोप-वे हादसे में फंसे लोगों को निकालने के लिए तीसरे दिन मंगलवार सुबह छह बजे से रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया जा चुका है। एयरफोर्स के जवानों ने हेलिकॉप्टर से 2500 फीट की ऊंचाई पर पहुंचकर रोप-वे की दो ट्रॉलियों में फंसे सात लोगों को निकाल लिया है। ऊंचाई पर होने की वजह से यह सबसे मुश्किल रेस्क्यू है। इससे पहले दो दिन में 40 लोगों का रेस्क्यू किया जा चुका है। अभी भी कुछ लोग फंसे हुए हैं, जिनको निकालने का प्रयास जारी है। इस संबंध में देवघर के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने बताया कि एयरफोर्स, आईटीबीपी और एनडीआरएफ की टीमों ने सुबह से अब तक सात लोगों को एयरलिफ्ट कराया है। जानकारी के अनुसार सोमवार को सेना, वायुसेना, आइटीबीपी और एनडीआरएफ की टीमों ने 12 घंटे तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया था। इसमें 33 लोगों को तीन हेलिकॉप्टर और रस्सी के सहारे बचाया गया। जबकि तीन लोगों की मौत हो चुकी है। इसी दौरान रेस्क्यू ऑपरेशन के क्रम में सोमवार को एक हादसा हो गया। एक शख्स को ट्रॉली से निकालकर हेलीकॉप्टर के अंदर लिया जा रहा था। तभी शख्स का हाथ छूट गया और वो नीचे खाई में गिर गया। हेलीकॉप्टर से गिरे शख्स की मौत हो गई। अंधेरा होने के कारण सोमवार शाम छह बजे रेस्क्यू रोक दिया गया था। जिन लोगों को सुरक्षित निकाला गया है उन सभी को देवघर के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अब तक इस ऑपरेशन में वायुसेना के तीन हेलिकॉप्टर लगाए गए हैं। आला अधिकारी लगातार मौके पर कैंप कर रहे हैं। इस हादसे में बचाए गए कुछ लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। इनमें महिलाएं और बच्चियां शामिल हैं। कुछ घायलों को आईसीयू में भी रखा गया है। उल्लेखनीय है कि देवघर जिले के त्रिकुट पहाड़ की चोटी पर स्थित रोप-वे के यूटीपी स्टेशन का रोलर रविवार को अचानक टूट गया। इसके बाद रोप-वे की 23 ट्रॉलियां एक झटके में सात फीट नीचे लटक गयीं। सबसे पहले ऊपर की एक ट्रॉली 40 फीट नीचे खाई में गिर गयी, जिसमें पांच लोग सवार थे। स्थानीय लोगों और रोप-वे कर्मियों ने मिलकर उस ट्रॉली में फंसे पांच लोगों को बाहर निकाला। हादसे के दौरान ट्रॉलियों में 48 लोग फंसे थे, जिन्हें सुरक्षित निकालने में भारतीय वायुसेना, एनडीआरएफ समेत अर्द्धसैनिक बलों की टीम सोमवार को दिनभर जुटी रही।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 April 2022

amrawati,Stampede ,Tirumala Balaji Temple

अमरावती (आंध्र प्रदेश)। तिरुमाला बालाजी मंदिर में मंगलवार को दर्शन के लिए टिकट (टोकन) लेने के दौरान मची भगदड़ में तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। कई लोग बेहोशी की हालत में मिले। सभी को स्थानीय रूया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कोरोना प्रतिबंध समाप्त होने के बाद दर्शन के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु तिरुमाला पहुंच रहे हैं। मंदिर प्रशासन सभी को ऑनलाइन टिकट जारी करता है। मंगलवार को तिरुपति स्थित क्यू कॉम्प्लेक्स में हजारों श्रद्धालु टिकट के लिए घंटों इंतजार करते रहे। टिकट न मिलने से गुस्साए श्रद्धालुओं ने बैरिकेडिंग तोड़ दी। इसके बाद भगदड़ मच गई। पुलिस का कहना है कि अब स्थिति नियंत्रण में है। तिरुमाला बालाजी मंदिर प्रशासन ने इस घटना के बाद ऑनलाइन टोकन जारी करने के नियम को रद्द कर दिया है। श्रद्धालुओं को अब सर्व दर्शन के लिए टिकट की जरूरत नहीं होगी। साथ ही अगले पांच दिन वीआईपी दर्शन की व्यवस्था पर प्रतिबंध रहेगा। मंदिर प्रशासन ने श्रद्धालुओं को तिरुपति से तिरुमला पहुंचाने की निशुल्क व्यवस्था की है। उल्लेखनीय है कि कोरोना के दौरान तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम प्रशासन ने दर्शनार्थियों के लिए ऑनलाइन टिकट अनिवार्य किया था। सर्व दर्शन के लिए मंदिर प्रशासन कोटा जारी कर वेबसाइट पर सूचित करता था। रोजाना करीब 20-30 हजार लोग दर्शन कर पाते थे। अब 70 हजार से अधिक तीर्थयात्री रोजाना तिरुमाला पहुंच रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 April 2022

new delhi, Gujarat should lead , country in achieving Industry, PM Modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चौथी औद्योगिकी क्रांति के पर्याय उद्योग 4.0 के मानकों को प्राप्त करने में गुजरात को अग्रणी भूमिका निभाने का आह्वान करते हुए कहा कि राज्य में ऐसा करने की क्षमता और स्वभाव दोनों हैं। विनिर्माण और इसी तरह के उद्योगों और मूल्य-निर्माण प्रक्रियाओं के डिजिटल परिवर्तन को उद्योग 4.0 के रूप में जाना जाता है। प्रधानमंत्री ने गुजरात में टीकाकरण अभियान की प्रशंसा की। उन्होंने औद्योगिक विकास के नवीनतम रुझानों की जरूरतों के अनुसार कौशल विकास को बढ़ावा देने की आवश्यकता को भी दोहराया। फार्मा उद्योग में राज्य की प्रमुख भूमिका के लिए फार्मेसी कॉलेज बनाने के प्रारंभिक प्रोत्साहन का उल्लेख करते हुए, उन्होंने कहा कि कौशल विकसित करने में समुदाय और सरकार के प्रयासों का कई गुना प्रभाव पड़ता है। उन्होंने कहा कि उद्योग 4.0 के मानकों को प्राप्त करने में गुजरात को देश का नेतृत्व करना चाहिए, क्योंकि राज्य में ऐसा करने की क्षमता और स्वभाव है। प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से गुजरात के अदालज में श्री अन्नपूर्णाधाम ट्रस्ट के छात्रावास और शिक्षा परिसर का उद्घाटन किया। कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने जनसहायक ट्रस्ट के हीरामनी आरोग्यधाम का भूमिपूजन भी किया। इस अवसर पर गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल उपस्थित थे। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने श्री अन्नपूर्णाधाम के दिव्य, आध्यात्मिक और सामाजिक उपक्रमों से लंबे समय तक जुड़े रहने पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य, शिक्षा और पोषण के क्षेत्र में योगदान देना गुजरात का स्वभाव रहा है। सभी समुदाय अपनी क्षमता के अनुसार अपनी भूमिका निभाते हैं और पाटीदार समुदाय समाज के लिए अपनी भूमिका निभाने में कभी पीछे नहीं रहता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि समृद्धि की देवी मां अन्नपूर्णा को सभी और विशेष रूप से पाटीदार समुदाय द्वारा गहरा सम्मान दिया जाता है, जो रोजमर्रा की जिंदगी की वास्तविकताओं से गहराई से जुड़ा हुआ है। प्रधानमंत्री ने कहा कि मां अन्नपूर्णा की प्रतिमा को हाल ही में कनाडा से काशी वापस लाया गया था। उन्होंने कहा, "हमारी संस्कृति के ऐसे दर्जनों प्रतीक पिछले कुछ वर्षों में विदेशों से वापस लाए गए हैं।" प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी संस्कृति में भोजन, स्वास्थ्य और शिक्षा को हमेशा बहुत महत्व दिया जाता है और आज श्री अन्नपूर्णाधाम ने इन तत्वों का विस्तार किया है। जो नई सुविधाएं आ रही हैं, उससे गुजरात के आम लोगों को काफी फायदा होगा, खासकर एक बार में 14 लोगों के डायलिसिस की सुविधा, 24 घंटे ब्लड सप्लाई वाला ब्लड बैंक एक बड़ी जरूरत को पूरा करेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने जिला अस्पतालों में मुफ्त डायलिसिस की सुविधा शुरू की है। प्रधानमंत्री ने गुजराती अपने संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल की उनके नेतृत्व और प्राकृतिक खेती पर जोर देने की प्रशंसा करते हुए कहा कि धरती माता की रक्षा के लिए जहां भी संभव हो प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने सरदार पटेल को एक महान श्रद्धांजलि अर्पित की है इससे उनका नाम दुनिया भर में पहुंचा है। कुपोषण को लेकर प्रधानमंत्री ने कहा कि अक्सर कुपोषण अज्ञानता के कारण भी होता है। उन्होंने संतुलित आहार के बारे में जागरूकता फैलाने की आवश्यकता पर बल दिया। भोजन को स्वास्थ्य की दिशा में पहला कदम बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कुपोषण अक्सर भोजन की कमी के बजाय भोजन के बारे में ज्ञान की कमी का परिणाम होता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि महामारी के दौरान सरकार ने 80 करोड़ से अधिक लोगों के लिए मुफ्त खाद्यान्न सुनिश्चित किया। डायलिसिस रोगियों के वित्त पर प्रतिकूल प्रभाव को देखते हुए प्रधानमंत्री ने देश के सभी जिलों में मुफ्त डायलिसिस की सुविधा फैलाने पर जोर दिया। इसी तरह जन औषधि केंद्र सस्ती दवा उपलब्ध कराकर मरीजों का खर्चा कम कर रहे हैं। स्वच्छता, पोषण, जन औषधि, डायलिसिस अभियान, स्टेंट और घुटने के प्रत्यारोपण की कीमतों में कमी जैसे उपायों ने आम लोगों पर बोझ कम किया है। इसी तरह, आयुष्मान भारत योजना ने गरीब और मध्यम वर्ग के रोगियों, विशेषकर महिलाओं की मदद की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 April 2022

srinagar,Former Chief Minister ,Mehbooba Mufti , house arrest

श्रीनगर। पीडीपी अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा को मंगलवार को सुरक्षा कारणों के चलते उनके श्रीनगर स्थित आवास में नजरबंद कर दिया गया है। महबूबा मुफ्ती मंगलवार को हरमैन शोपियां में आतंकी हमले में घायल हुए दुकानदार सोनू कुमार बालाजी कश्मीरी पंडित के परिवार से मिलने जाने वाली थीं लेकिन उन्हें नहीं जाने दिया गया। पुलिस के मुताबिक मंगलवार को महबूबा मुफ्ती जिला शोपियां में आतंकी हमले में घायल कश्मीरी पंडित के घर उनका हालचाल जानने के लिए रवाना होने वाली थी। जैसे ही अपने निवास स्थान से बाहर निकलने लगी तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया। आवास के बाहर तैनात पुलिस ने मुख्य गेट बंद कर दिया ताकि कोई भी बाहर या फिर अंदर न जा सके। उल्लेखनीय है कि चार अप्रैल को शोपियां निवासी एक कश्मीरी पंडित सोनू कुमार बालाजी पर आतंकियों ने हमला कर दिया था जिसमें दवा विक्रेता दुकान का मालिक सोनू कुमार बालाजी घायल हो गया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 April 2022

new delhi, New team , Punjab Congress, met Rahul Gandhi

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को पंजाब कांग्रेस की नई टीम से मुलाकात की। कांग्रेस के अधिकारिक ट्वीट हैंडल ने फोटो जारी कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी और पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश चौधरी ने आज पंजाब कांग्रेस की नई टीम से मुलाकात की। इसमें अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा, कार्यकारी अध्यक्ष भारत भूषण, पंजाब विधानसभा में कांग्रेस के नेता प्रताप सिंह बाजवा और उनके सहयोगी राज कुमार शामिल थे। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 9 अप्रैल को इन नेताओं की नियुक्ति की थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 April 2022

devghar,Deoghar Trikut ,Ropeway Incident

देवघर। देवघर के त्रिकुट पर्वत पर रोप-वे से सफर के दौरान फंसे हुए लोगों को बचाने के लिए भारतीय वायुसेना और एनडीआरएफ की टीमें रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही हैं। रविवार से शाम से 48 लोग अलग-अलग ट्रॉलियों में करीब 2000 फीट की ऊंचाई पर फंसे हैं। सोमवार को सुबह से शुरू हुए वायु सेना के अभियान में अब तक 18 लोगों को सुरक्षित निकाला जा चुका है। तेज हवा के चलते रेस्क्यू में दिक्कतें आ रही हैं। ट्रॉली में फंसे लोगों के लिए हेलीकॉप्टर के जरिये खाना-पानी पहुंचाया गया है। देवघर जिले के त्रिकुट पहाड़ में मौजूद झारखंड का एक मात्र रोपवे रविवार शाम करीब 4:30 बजे डाउन स्टेशन से चालू हुआ। चंद मिनट में पहाड़ की चोटी पर स्थित रोप-वे के यूटीपी स्टेशन का रोलर अचानक टूट गया। इसके बाद रोप-वे की 23 ट्रॉलियां एक झटके में सात फीट नीचे लटक गयीं। सबसे पहले ऊपर की एक ट्रॉली 40 फीट नीचे खाई में गिर गयी, जिसमें पांच लोग सवार थे। स्थानीय लोगों और रोप-वे कर्मियों ने मिलकर उस ट्रॉली में फंसे पांच लोगों को बाहर निकाला। हादसे के दौरान इसमें सबसे नीचे की दो ट्रॉली पत्थर से टकरा गयी। इन दोनों में सवार सभी लोग घायल हो गये। पर्यटकों के लिए संचालित रोप-वे की कई ट्रॉलियां आपस में टकरा गईं, जिससे काफी संख्या में लोग ट्रॉलियों में फंस गए। एनडीआरएफ की टीम ने रविवार रात रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू करके 12 पर्यटकों को सुरक्षित निकाल लिया लेकिन रात होने की वजह से ऑपरेशन बंद करना पड़ा था। कल बचाए गए लोगों में आज पथरड्डा, सारठ निवासी सुमंती देवी (40) की मौत हो गई है। बचाए गए लोगों में एक बच्ची समेत तीन की हालत बेहद गंभीर है। घायलों में अधिकांश लोग बिहार के हैं। सोमवार सुबह से आईटीबीपी और एनडीआरएफ के साथ वायु सेना भी रेस्क्यू ऑपरेशन में शामिल हो गई। वायु सेना ने दो एमआई-17 हेलीकॉप्टरों को बचाव कार्य में लगाया है, जहां 48 लोग दुर्घटना के कारण रोपवे ट्रॉली में फंसे हैं। वायु सेना के हेलीकॉप्टर ट्रॉलियों में फंसे लोगों को बाहर निकालने में जुटे हैं। हवा में लटके लोगों तक एक खाली ट्रॉली में बिस्किट और पानी के पैकेट पहुंचाए गए हैं। फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए एनडीआरएफ की टीम लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही है जिसमें वायु सेना के हेलीकॉप्टर मदद कर रहे हैं। तेज हवा चलने की वजह से हेलीकॉप्टर की ट्रॉलियां हिलने लगती है जिससे फंसे हुए लोगों को निकालने में दिक्कतें आ रही हैं। हादसे के बाद से स्थानीय सांसद निशिकांत दुबे, जिले के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री सहित कई आला अधिकारी मौके पर डेरा जमाए हुए हैं। उपायुक्त ने बताया कि रोपवे सर्विस को बंद कर दिया गया है और घायलों को इलाज के लिए देवघर के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। देवघर जिला प्रशासन के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए हैं और लोगों को जल्द से जल्द निकालने की कोशिश कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने हादसे पर गहरा दुख जताया   मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने देवघर जिला स्थित त्रिकूट पर्वत के रोपवे का तार टूटने से हुए हादसे पर गहरा दुख जताया है। रांची एयरपोर्ट पर उन्होंने संवाददाताओं को बताया कि इस हादसे के बाद युद्ध स्तर पर राहत एवं बचाव कार्य चलाया जा रहा है। लोगों को सकुशल निकालने का प्रयास किया जा रहा है। इसमें विशेषज्ञों की भी सहायता ली जा रही है। इस हादसे पर सरकार की पूरी नजर है। राहत एवं बचाव कार्यों के लिए सरकार द्वारा लगातार निर्देश दिए जा रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 April 2022

mumbai, Sanjay Raut , Kirit and Neel Somaiya

मुंबई। भाजपा नेता किरीट सोमैया और शिवसेना सांसद संजय राउत के बीच 1971 में पाकिस्तान के साथ युद्ध में अहम भूमिका निभाने वाले नौसेना के युद्धपोत आईएनएस विक्रांत को बचाने के लिए जमा किए गए पैसे को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। संजय राऊत का आरोप है कि किरीट सोमैया तथा उनके बेटे नील सोमैया विदेश भागने की तैयारी में हैं। इसलिए इन दोनों के खिलाफ पुलिस को लुक आउट नोटिस जारी करना चाहिए। संजय राऊत ने सोमवार को पत्रकारों से कहा कि किरीट सोमैया तथा नील सोमैया ने आईएनएस विक्रांत को स्क्रैप में जाने से बचाने के नाम पर पूरे देश से पैसा वसूला लेकिन यह पैसा राजभवन तक नहीं पहुंचाया। इस मामले में कई पूर्व सैनिकों ने 10-10 हजार रुपये आईएनएस विक्रांत की दान पेटी डालने का दावा किया है। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा से जुड़ा यह बहुत बड़ा मामला है। देश की अस्मिता आईएनएस विक्रांत के नाम पर धनउगाही करने तथा उसका हिसाब न मिलना देशद्रोह ही है। इस मामले की जांच मनी लॉड्रिंग एंगल से की जानी चाहिए। संजय राऊत ने कहा कि यह मामला यह मामला पुलिस स्टेशन में दर्ज है। पुलिस ने किरीट और नील सोमैया को पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन दोनों अब तक पुलिस के समक्ष उपस्थित नहीं हुए हैं। संजय राऊत ने कहा कि किरीट सोमैया तथा नील सोमैया फरार हैं और दोनों को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) बचाने का प्रयास कर रही है। संजय राऊत ने कहा कि किरीट सोमैया तथा नील सोमैया को भाजपा अग्रिम जमानत दिलवाने के लिए कोर्ट पर दबाव बना रही है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के राज्यपाल को भी इस मामले में किरीट सोमैया को बचाने का प्रयास नहीं करना चाहिए।   इस बीच सोमवार को किरीट सोमैया का दिसंबर 2013 का तत्कालीन राज्यपाल शंकरनारायण को लिखा एक पत्र सामने आया है। उस पत्र में किरीट सोमैया ने लिखा है कि आईएनएस विक्रांत को बचाने के नाम पर चर्चगेट स्टेशन पर 11 हजार 224 रुपये वसूले गए हैं। यह रुपये वे राजभवन को सौंपना चाहते हैं लेकिन राजभवन में किरीट सोमैया ने यह रुपये नहीं दिए थे। यह रकम सिर्फ चर्चगेट स्टेशन पर जमा की गई थी, जबकि किरीट सोमैया ने उस समय कुलाबा नेवीनगर से लेकर पूरी मुंबई तथा पूरे देश से पैसा वसूल किया था। उस राशि के बारे में किसी को जानकारी नहीं है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 April 2022

new delhi,ED questions ,Mallikarjun Kharge, National Herald case

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोमवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे से नेशनल हेराल्ड से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच के सिलसिले में पूछताछ की। सूत्रों के मुताबिक राज्यसभा में विपक्ष के नेता खड़गे को जांच के संबंध में केन्द्रीय जांच एजेंसी के समक्ष पेश होने के लिए तलब किया गया था। खड़गे का बयान धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत दर्ज किया जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 April 2022

Gujarat,Huge explosion, chemical factory , Bharuch

भरूच/अहमदाबाद। भरूच के एक केमिकल प्लांट में रविवार देर रात जबर्दस्त धमाका हुआ। संयंत्र में रासायनिक प्रतिक्रिया के दौरान ब्लास्ट हुआ, जिसमे छह श्रमिकों की मौत हो गई। घटना के बाद से एक मजदूर लापता है। आग इतनी भीषण थी कि दूर से ही धुएं के गुबार दिखाई दे रहे थे। दमकल कर्मियों ने घंटों की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। जानकारी के अनुसार दहेज स्थित ओम ऑर्गेनिक कंपनी में रासायनिक प्रक्रिया चल रही थी, इसी बीच रविवार रात अचानक हुए विस्फोट से भीषण आग लग गई। दमकल का काफिला मौके पर पहुंचकर कर्मचारियों ने आग पर काबू पाने की कोशिशें शुरू कर दीं। हालांकि आग इतनी भीषण थी कि राहत और बचाव कार्य शुरू होने से पहले ही छह मजदूरों की जलकर मौत हो गई। आग लाग्ने से सब कुछ भस्म हो गया । आग लगने के बाद दमकल की टीम ने घंटों मशक्कत के बाद आग पर काबू पाने का प्रयास किया। बाद में हुई आग में छह लोग झुलस गए। एक व्यक्ति लापता है। घटना से मृतक के परिजनों में गहरा सदमा है। पुलिस द्वारा अग्नि सुरक्षा को लेकर कंपनी की जांच की जा रही है। कुछ दिन पहले भी पंचमहल जिले के घोघंबा तहसील के रंजीत नगर में गुजरात फ्लू केमिकल कंपनी में भीषण आग लगने से पांच मजदूरों की मौत हो गई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 April 2022

new delhi, Prime Minister ,Kisan Samman Nidhi ,pM Modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को इस बात पर खुशी जताई कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि और कृषि से जुड़ी अन्य योजनाएं देश के करोड़ों किसानों को नई ताकत दे रही हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा, “हमारे किसान भाई-बहनों पर देश को गर्व है। ये जितना सशक्त होंगे, नया भारत भी उतना ही समृद्ध होगा। मुझे खुशी है कि पीएम किसान सम्मान निधि और कृषि से जुड़ी अन्य योजनाएं देश के करोड़ों किसानों को नई ताकत दे रही हैं।”   उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 11.3 करोड़ किसानों के बैंक खातों में अबतक 1.82 लाख करोड़ रुपये सीधे पहुंच चुके हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 April 2022

mumbai,Two senior police officers ,transferred , Sharad Pawar

मुंबई। मुंबई पुलिस ने शरद पवार के आवास पर हुए हमले के सिलसिले में दो वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का तबादला कर दिया। इस मामले में राज्य के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल के आदेश के बाद यह कार्रवाई की गई है। हमले के बाद शरद पवार व उनके परिवार की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। मुंबई पुलिस के सह पुलिस आयुक्त विश्वास नागरे पाटिल ने रविवार को बताया कि शरद पवार के आवास पर हुए मामले के दोषी पाए गए आईपीएस अफसर योगेश कुमार को फिलहाल परिमंडल दो के पुलिस उपायुक्त पद से हटा दिया गया है। इस पद पर पुलिस उपायुक्त नीलोत्पद को नियुक्त किया गया है। योगेश कुमार को अभी तक उन्हें किसी भी अन्य पद पर नियुक्ति नहीं दी गई है। इसी तरह वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक आर.जे. राजभर को हटा कर उन्हें पुलिस नियंत्रण विभाग में नियुक्त किया गया है। गृह मंत्री पाटिल ने रविवार को मुंबई पुलिस आयुक्त संजय पांडे, महाराष्ट्र के महाधिवक्ता आशुतोष कुंभकोणी तथा सह पुलिस आयुक्त विश्वास नागरे पाटिल सहित अन्य उच्च पदस्थ अधिकारियों के साथ आधे घंटे तक बैठक की और कानून व्यवस्था का जायजा लिया। संभावना जताई जा रही है कि गृह विभाग इस मामले में और भी कठोर कार्रवाई कर सकता है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 April 2022

new delhi,PM Modi ,extends Ram Navami greetings

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों को रामनवमी की शुभकामनाएं देते हुए उनके जीवन में सुख, शांति और समृद्धि की कामना की। प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को ट्वीट संदेश में कहा, देशवासियों को रामनवमी की ढेरों शुभकामनाएं। भगवान श्रीराम की कृपा से हर किसी को जीवन में सुख, शांति और समृद्धि प्राप्त हो। जय श्रीराम।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 April 2022

srinagar, One terrorist killed, Srinagar encounter

श्रीनगर। श्रीनगर के बेशंबर नगर इलाके में रविवार सुबह आतंकियों और सुरक्षाबलों बीच शुरू हुई मुठभेड़ में एक आतंकी मार गिराया गया। एक अन्य आतंकवादी के सुरक्षाबलों के घेरे में है। सुरक्षाबलों का अभियान जारी है। आईजीपी कश्मीर विजय कुमार के अनुसार मारा गया आतंकवादी गत सोमवार को श्रीनगर के मैसूमा इलाके में सीआरपीएफ के एक जवान की हत्या में शामिल था, जबकि दूसरा अभी भी मुठभेड़ स्थल पर फंसा हुआ है। जानकारी के अनुसार रविवार सुबह जिले के बेशंबर नगर इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की गुप्त सूचना पर श्रीनगर पुलिस ने सेना तथा सीआरपीएफ के साथ मिलकर तलाशी अभियान शुरू किया। तलाशी अभियान के दौरान क्षेत्र में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों को अपने नजदीक आते देखकर गोलीबारी की, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया है। दोनों ओर से गोलीबारी जारी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 April 2022

ahamdabad,Corona

अहमदाबाद। गुजरात में कोरोना के नये वेरिएंट एक्सई ने दस्तक दे दी है। वडोदरा के गोत्री इलाके में इस वेरिएंट से एक पुरुष संक्रमित पाया गया है। स्वास्थ्य विभाग आगे की जांच कर रहा है। मरीज की ट्रैवल हिस्ट्री खंगाली जा रही है। स्वास्थ्य सचिव मनोज अग्रवाल के मुताबिक फ्लाइट से मुंबई से वडोदरा आये 67 वर्षीय इस बुजुर्ग का सैंपल टेस्ट किया गया। नमूना जीनोम सीक्वेंसिंग लैब गांधीनगर में भेजा गया था। इसकी रिपोर्ट बीती रात पॉजिटिव आई। इस मरीज के नमूने में एक्सई वेरिएंट के जीनोम सीक्वेंस मिले। इस तरह राज्य में इस वेरिएंट का पहला मामला है। अग्रवाल के मुताबिक मरीज के संपर्क में आये तीन अन्य लोगों की कोरोनरी टेस्टिंग की सभी रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। स्वास्थ्य विभाग ने वडोदरा में कोरोना नियमावली का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 April 2022

aurangabad, Six friends ,swallowed poison , Aurangabad

औरंगाबाद। औरंगाबाद जिले के कासमा थाना क्षेत्र के एक गांव में शुक्रवार देरशाम छह सहेलियों ने विषैला पदार्थ निगलकर जीवनलीला समाप्त करने की कोशिश की। इनमें से तीन की मौत हो गई। तीन लड़कियों का मगध मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल में इलाज चल रहा है। तीनों की हालत नाजुक बताई जा रही है। एसपी कांतेश कुमार मिश्रा ने शनिवार को बताया कि मरने वाली एक लड़की अपने भाई के साले से प्रेम करती थी। उसने सहेलियों के साथ अपने प्रेम का इजहार कर शादी की पेशकश की। मगर लड़के ने मना कर दिया। इसके बाद इस लड़की ने किसी विषैले पदार्थ का सेवन कर लिया। इस सूचना पर पहुंची पांच सहेलियों ने भी जहर निगल लिया। इसके बाद इन लड़कियों की हालत गंभीर हो गई। ग्रामीणों ने उन्हें बचाने की कोशिश की। मगर तीन लड़कियों की मौत हो गई। बाकी तीन लड़कियों को बेहतर इलाज के लिए मगध मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। वहां उनका इलाज चल रहा है। इस वाकया की सूचना मिलते ही सीओ अवधेश कुमार सिंह, थानाध्यक्ष राजगृह प्रसाद, मुखिया प्रतिनिधि अनुज कुमार सिंह गांव पहुंचे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 April 2022

shimla, Shock , Aam Aadmi Party, Himachal Pradesh

शिमला। हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका लगा है। मंडी में आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल के रोड शो के महज दो दिन बाद आप के बड़े नेताओं ने भाजपा का दामन थाम लिया है। आप के हिमाचल प्रदेश अध्यक्ष अनूप केसरी, संगठन महासचिव सतीश ठाकुर और ऊना अध्यक्ष इकबाल सिंह भाजपा में शामिल हो गए। ये तीनों नेता केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की मौजूदगी में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास पर भाजपा में शामिल हुए। तीनों को भाजपा में शामिल करने के सूत्रधार अनुराग ठाकुर बने हैं। अनुराग ठाकुर ने अपने फेसबुक पेज पर आप नेताओं के भाजपा में शामिल होने की पुष्टि की है।   अनुराग ठाकुर ने कहा है कि भाजपा कार्यकर्ताओं की पार्टी है और हर कार्यकर्ता को यहां पर सम्मान दिया जाता है तथा आने वाले चुनाव में भाजपा की सरकार बनेगी। आप उम्मीदवारों की जमानत जब्त होगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 April 2022

anantnaag,Lashkar terrorist killed, Anantnag encounter

अनंतनाग। अनंतनाग जिले के सिरहामा इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच शनिवार सुबह से मुठभेड़ जारी है। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने अभी तक लश्कर-ए-तैयबा के एक स्थानीय आतंकी को मार गिराया है। मारे गए आतंकी की पहचान आतंकी सगंठन लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर निसार डार के रूप में की गई है। अनंतनाग जिले के सिरहामा इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान शुरू किया। इस दौरान छिपे आतंकियों ने उन पर गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के एक स्थानीय आतंकी को मार गिराया है। सुरक्षाबलों ने आतंकी के शव को भी अपने कब्जे में ले लिया है। आईजीपी कश्मीर विजयकुमार ने लश्कर-ए-तैयबा कमांडर निसार डार के अनंतनाग मुठभेड़ में मारे जाने की पुष्टि करते हुए कहा कि वह हत्या सहित अन्य कई मामलों में वांछित था। वह 6 मई, 2021 से आतंकी गतिविधियों में सक्रिय था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 April 2022

rohtak, Two crore ,62 lakh , looted by shooting

  रोहतक । शहर के सेक्टर एक में शुक्रवार को एटीएम मशीन में नकदी डालने आई कैश वैन को निशाना बनाते हुए सुरक्षाकर्मी को गोली मारकर बदमाशों ने दो करोड़ 62 लाख रुपये लूट लिए। लुटेरे सुरक्षाकर्मी का हथियार लेकर फरार हो गए। सूचना मिलने पर आईजी ममता सिंह और एसपी उदय सिह मीणा सहित भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने पूरे जिले में नाकाबंदी कर वाहनों की पड़ताल की, लेकिन लुटेरो के बारे में कोई सुराग नहीं मिला। बताया जा रहा है कि बदमाश खाली बोरियां अपने साथ लाए थे। बोरियों में नकदी भर कर फरार हो गए। पुलिस के अनुसार शुक्रवार दोपहर करीब दो बजे कैश वैन सेक्टर एक स्थित एक्सिस बैक के एटीएम में रुपये डालने पहुंचीं। इसी दौरान मोटरसाइकिल सवार दो युवक वहां पहुंचे और जैसे ही कैश वैन से सुरक्षाकर्मी नीचे उतरा तभी युवकों ने उस पर फायरिंग शुरू कर दी। गोली लगने से सुरक्षाकर्मी घायल हो गया और वहीं गिर गया। इसके बाद बदमाशों ने कैश वैन में रखे बक्सों से कैश निकाला और बोरियों में भरकर फरार हो गए। वारदात के बाद लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक उदय सिंह मीना व अपराध जांच शाखा की टीम मौके पर पहुंची। जांच में यह बात सामने आई कि एक कार भी कैश वैन का पीछा कर रही थी। आशंका जताई जा रही है कि मोटरसाइकिल सवार युवक कार में कैश लेकर फरार हुए हैं। गोली लगने से घायल हुए सुरक्षाकर्मी को पीजीआई में भर्ती कराया गया है। उसकी हालत गंभीर है। पुलिस महानिरीक्षक ममता सिंह ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया। पुलिस अधीक्षक का कहना है कि अलग-अलग टीमें बदमाशों की तलाश कर रही है। साथ ही सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 April 2022

new delhi, Vyapam whistleblower ,Anand Rai ,Supreme Court

  नई दिल्ली। व्यापमं मामले के व्हीसलब्लोअर डॉक्टर आनंद राय अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे। सुप्रीम कोर्ट 11 अप्रैल को इस याचिका पर सुनवाई करेगी। आनंद राय पर मध्य प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा के प्रश्नपत्र का फर्जी स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर पोस्ट करने का आरोप है। उन्होंने दावा किया था कि यह मुख्यमंत्री कार्यालय के एक अधिकारी के फोन से मिला है। बता दें कि जब मध्यप्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा का स्क्रीनशॉट वायरल हुआ था तो उसमें लक्ष्मण सिंह का नाम दिख रहा था। इसी स्क्रीनशॉट को आनंद राय ने सोशल मीडिया पर डाला था। इसे लेकर 25 मार्च को एफआईआर दर्ज की गई थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 April 2022

ranchi, Rahul Gandhi ,approaches High Court , defamation case

  रांची। झारखंड होई कोर्ट में शुक्रवार को कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के मानहानि मामले में सुनवाई हुई। हाई कोर्ट के जस्टिस एसके द्विवेदी की अदालत में राहुल गांधी की ओर याचिका दाखिल की गई है। सुनवाई के दौरान राहुल गांधी की ओर से समय मांगा गया, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया। अब 26 अप्रैल को सुनवाई होगी। राहुल गांधी के खिलाफ निचली अदालत में याचिका दाखिल की गई थी। इसमें उनके एक बयान का हवाला देते हुए आरोप लगाया गया था कि उन्होंने कहा है कि 'सभी मोदी नाम वाले चोर होते हैं'। इस बयान से एक जाति विशेष के लोगों की भावनाएं आहत हुईं। लिहाजा मोदी सरनेम वाले याचिकाकर्ता ने मानहानि का मुकदमा दाखिल कर दिया। निचली अदालत ने इस याचिका का संज्ञान ले लिया। इसके खिलाफ राहुल गांधी ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की । उल्लेखनीय है कि वर्ष 2020 में रांची के मोहराबादी मैदान में एक सभा के दौरान राहुल गांधी की ओर से दिए गए बयान के खिलाफ प्रदीप मोदी ने रांची सिविल कोर्ट में मानहानि का दावा किया। इसमें कोर्ट ने राहुल गांधी मो पेश होने का आदेश दिया। राहुल गांधी ने इसे हाईकोर्ट में चुनौती दी। दरअसल, राहुल गांधी ने एक बयान में नीरव मोदी, ललित मोदी के जरिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निशाने पर लेते हुए मोदी सरनेम को लेकर टिप्पणी की थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 April 2022

new delhi,Prime Minister

  नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का हर ग़रीब को पक्का घर देने का सपना साकार हो रहा है। नड्डा ने ट्वीट कर कहा कि 'पीएम आवास योजना' के तहत 3 करोड़ से ज्यादा घरों का निर्माण हो चुका है। यह प्रक्रिया सतत जारी रहेगी जब तक हर बेघर को छत न मिल जाए, 'हर दम, हर कदम राष्ट्र निर्माण' में। उन्होंने एक आंकड़ा पेश करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत कुल 2.52 करोड़ पक्के मकानों के निर्माण का कार्य पूरा हो गया है। अब तक 1.95 लाख करोड़ रुपए की केंद्रीय सहायता इसके लिए जारी की गई है।   वहीं, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत कुल 58 लाख पक्के मकानों के निर्माण का कार्य पूरा हो गया है। इसके लिए अब तक कुल 1.18 लाख करोड़ रुपए की केंद्रीय सहायता जारी की गई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 April 2022

ranchi, Lalu Yadav, did not get bail

रांची। झारखंड हाई कोर्ट में शुक्रवार को चारा घोटाले में सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर सुनवाई हुई। इसमें सीबीआई ने अपना जवाब दाखिल करने के लिए कोर्ट से समय मांगा। कोर्ट ने आगामी 22 अप्रैल को सुनवाई की अगली तिथि निर्धारित कर दी। यह मामला जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में सुनवाई के लिए सूचीबद्ध था।   लालू प्रसाद की ओर से दिग्गज वकील कपिल सिब्बल भी जुड़े। लालू फिलहाल चारा घोटाले से जुड़े डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में सलाखों के पीछे हैं। इस मामले में अदालत कृष्ण मोहन प्रसाद समेत अन्य तीन लोगों को जमानत दी है। कृष्ण मोहन तब कृषि निदेशक थे। जिन लोगों को जमानत मिली है उनमें डॉक्टर और सप्लायर शामिल हैं। लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका में बढ़ती उम्र और 17 प्रकार की बीमारियां होने का हवाला दिया गया है। साथ ही यह भी कहा गया कि उन्होंने इस मामले में सजा की आधी अवधि जेल में पहले ही पूरी कर ली है। इस आधार पर उन्हें जमानत की सुविधा मिलनी चाहिए। इससे पहले 22 मार्च को चारा घोटाले में यहां सजा भुगत रहे लालू प्रसाद यादव को किडनी में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए रिम्स के मेडिकल बोर्ड की सलाह पर विशेष विमान से उनकी बेटी मीसा भारती अपने साथ दिल्ली स्थित एम्स ले गयी थीं। फिलहाल वहीं उनका इलाज चल रहा है। उल्लेखनीय है कि 21 फरवरी को लालू यादव को सीबीआइ की विशेष अदालत ने चारा घोटाले से जुड़े डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में पांच साल की सजा सुनायी थी। साथ ही 60 लाख रुपये जुर्माना भी लगाया था। इसके खिलाफ लालू यादव ने हाई कोर्ट में जमानत याचिका दायर की। लालू यादव पर डोरंडा कोषागार मामले में 135 करोड़ रुपये अवैध निकासी मामले में सजा दी गयी है। इसके पहले लालू को चारा घोटाले के अन्य मामलों में सजा मिल चुकी है। जानकारी के अनुसार लालू यादव की जमानत पर सबकी निगाहें लगी थी। इससे पहले एक अप्रैल को न्यायाधीश के अदालत में नहीं बैठने के कारण लालू यादव की जमानत याचिका पर सुनवाई नहीं हो सकी थी। इसके पहल जमानत याचिका पर 11 मार्च को सुनवाई होनी थी लेकिन उस समय भी सुनवाई नहीं हो सकी थी। उस तारीख पर अदालत ने सीबीआई कोर्ट से रिकॉर्ड मंगाने का निर्देश दिया था। लालू प्रसाद यादव ने सीबीआई अदालत के आदेश के खिलाफ हाई कोर्ट में 24 फरवरी को अपील दाखिल की थी। अपनी अपील के साथ ही लालू यादव ने जमानत के लिए भी आवेदन दिया था। इस पर चार मार्च को सुनवाई हुई थी। लेकिन अदालत ने याचिका में त्रुटियों को दुरुस्त करने का निर्देश देते हुए इसकी सुनवाई 11 मार्च को निर्धारित की थी। अब तक क्या हुआ जानकारी के अनुसार चारा घोटाला संयुक्त बिहार के वक्त चार जिलों में हुई। इसमें चाईबासा जिला में चारा घोटाले के दो मामले हैं। सबसे अधिक अवैध निकासी रांची डोरंडा कोषागार से हुई। मामले में सबसे पहले प्राथमिकी चाईबासा में दर्ज की गयी, जहां चाईबासा कोषागार में 37.7 करोड़ की अवैध निकासी पर लालू को पांच साल की सजा और 25 लाख जुर्माना लगाया गया। देवघर कोषागार से 89.5 लाख की अवैध निकासी। इसमें साढ़े तीन साल की सजा सुनायी गयी। साथ ही पांच लाख जुर्माना लगाया गया। चाईबासा कोषागार से 30 करोड़ की अवैध निकासी हुई। इसमें पांच साल की सजा और 10 लाख जुर्माना लगाया गया। दुमका कोषागार से 3.13 करोड़ की अवैध निकासी पर सात साल की सजा और 30 लाख रुपये जुर्माना लगाया गया। वहीं, डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये की अवैध निकासी की गयी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 April 2022

 Telangana, 4 women killed ,road accident

हनमकोंडा। तेलंगाना के हनमकोंडा जिले के श्यामपेट मंडल में शुक्रवार सुबह भीषण सड़क हादसा हुआ। घटनास्थल पर चार महिलाओं की घटनास्थल पर ही मौत हो गई और 10 अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। पुलिस ने बताया कि पत्तीपाका ग्राम निवासी 25 से अधिक खेत मजदूर जयशंकर भूपलपल्ली जिला के मल्लप्पल्ली मंडल के निकट मिर्ची की फसल काटने के लिए एक ट्राली ऑटो में जा रहे थे। मदारी पेट के निकट कस्तूरबा गुरुकुल पाठशाला के सामने ट्राली ऑटो की एक लारी से आमने-सामने टक्कर हो गई। इस दुर्घटना में मंजुला (45), रेणुका (48), विमला (50) और कोमुरम्मा (48) की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। इसके अलावा ट्राली ऑटो में सवार अन्य 10 लोग घायल हो गए जिनका इलाज वरंगल एमजीएम अस्पताल में चल रहा है। घायलों में तीन लोगों की हालत काफी नाजुक है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और तहकीकात जारी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 April 2022

uttarkashi,  doors of Yamunotri Dham ,open in Abhijeet Muhurta

उत्तरकाशी। उत्तराखंड के चार धामों में पहले धाम यमुनोत्री के कपाट ग्रीष्मकाल के लिए आगामी 3 मई को दोपहर 12.15 बजे खुलेंगे। इसी दिन सुबह मां यमुना की उत्सव मूर्ति को डोली यात्रा के साथ खरसाली से यमुनोत्री धाम ले जाया जाएगा। यमुना जयंती के मौके पर गुरुवार को यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने की का मुहूर्त तय किया गया। श्री पांच मंदिर समिति ने मां यमुना के शीतकालीन प्रवास खरसाली में आज यमुना जयंती के मौके पर यमुनोत्री धाम के कपाट खोलने की घोषणा की। मंदिर समिति के सचिव सुरेश उनियाल ने बताया की 3 मई, 20 गति बैसाख मंगलवार 12.15 पर अभिजीत मुहूर्त और रोहिणी नक्षत्र में मां यमुना के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि तीन मई को प्रात: 8.30 करनाली गांव से शनि महाराज की डोली के साथ मां यमुना की डोली यमुनोत्री के लिए प्रस्थान करेगी। इसके बाद ठीक 12.15 मिनट पर कपाट शुभ मुहूर्त कर्क लग्न ,रोहणी नक्षत्र,अभिजीत मुहूर्त अमृत वेला अक्षय तृतीया (अखा तीज) के मौके पर खोल दिया जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 April 2022

srinagar,NIA raids ,many places , Kashmir Valley

श्रीनगर। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) गुरुवार को एक बार फिर कश्मीर घाटी में कई स्थानों पर छापेमारी कर रही है। अभी यह पता नहीं चल सका है कि ये छापेमारी किस मामले में की जा रही है। इस छापेमारी में एनआईए की कई टीमें शामिल हैं। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार एनआईए के अधिकारी पुलिस और सीआरपीएफ की मदद से कश्मीर की राजधानी श्रीनगर, बडगाम और अन्य इलाकों में आतंकवादी गतिविधियों से जुड़े एक मामले में छापेमारी कर रहे हैं। श्रीनगर में एनआईए की टीम ने श्रीनगर पुलिस के साथ जलदगर निवासी फिरोज अहमद अहंगेर के आवास पर छापा मारा। उसके पिता अरसलान अहंगेर को दिसंबर में एनआईए ने पकड़ा था। जांच एजेंसी की एक अन्य टीम ने श्रीनगर के बाहरी इलाके के मुस्तफाबाद जैनकोट इलाके के निवासी अब्दुल समद डार पुत्र अजाज अहमद डार के घर पर छापेमारी की। इसी तरह एनआईए की टीम ने पुलिस के साथ मिलकर पेशे से सेल्समैन बोनापोरा नौगाम निवासी समीर अहमद गनी पुत्र मोहम्मद याकूब के घर और चनापोरा स्थित अलनूर कॉलोनी निवासी सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारी मोहम्मद मकबूल भट पुत्र गुलाम मोहम्मद भट के घर पर छापेमारी की। इसी तरह बैंक कॉलोनी बागी मेहताब इलाके में एनआईए ने शावाल कारोबार से जुड़े जहीर बशीर भट पुत्र बशीर अहमद भट के घर की तलाशी ली है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी अभी भी अरिपथन बडगाम, तुलबाग पंपोर और अन्य स्थानों पर छापेमारी कर रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 April 2022

mumbai, No official confirmation ,new variant XE ,Rajesh Tope

मुंबई। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि मुंबई में कोरोना का नया वेरिएंट एक्स ई पाया गया है, लेकिन इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। इसलिए इससे घबराने की जरूरत नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री के साथ उपमुख्यमंत्री अजीत पवार भी मौजूद थे। राजेश टोपे तथा अजीत पवार ने मुंबई में गुरुवार को फिट इंडिया कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इसके बाद राजेश टोपे ने पत्रकारों को बताया कि मुंबई नगर निगम ने कल कहा था कि शहर में कोरोना का एक्स ई और कॉपी वेरिएंट का संक्रमित पाया गया है लेकिन इस बात की पुष्टि नहीं हुई है। एनआईबी की रिपोर्ट के बाद ही इस वेरिएंट की सच्चाई के बारे में पता चल सकेगा। कोरोना का नया एक्स ई वेरिएंट का संसर्ग कोरोना वेरिएंट से दस गुना तेजी से प्रसारित होता है। राजेश टोपे ने कहा कि कोरोना से पहले राज्य में स्वास्थ्य मशीनरी इतनी सक्षम नहीं थी, लेकिन कोरोना कालखंड के दौरान स्वास्थ्य मशीनरी ने चुस्त-दुरुस्त होकर बेहतर काम किया है। अब कोरोना पूरी तरह नियंत्रण में है इसलिए मास्क लगाने पर प्रतिबंध हटा दिया गया है। उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि आजकल बड़े-बड़े मैदान छोटे होते जा रहे हैं, बच्चों के खेलने के लिए जगह कम है। आज अकोला दुनिया के शीर्ष पांच सबसे गर्म शहरों में से एक है, यहां 43 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया है जो खतरे की घंटी है। स्वास्थ्य के मामले में चीजें वैसी नहीं रही जैसी पहले थी। महाराष्ट्र ने स्वस्थ महाराष्ट्र का संकल्प लिया है। लोगों की आदतों में बदलाव के साथ जीवन स्तर बदल गया है। मुंबई में आज भी कुछ मरीज मिले हैं। इसलिए लोगों को सावधान रहना चाहिए, मास्क का उपयोग वैकल्पिक है लेकिन लोगों का इसका उपयोग खुद की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए करते रहना चाहिए।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 April 2022

new delhi, Lok Sabha, meeting adjourned indefinitely

नई दिल्ली। संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण में लोकसभा की बैठक तय अवधि से एक दिन पहले गुरुवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने गुरुवार को सदन की बैठक शुरू होते ही सत्र के दौरान हुए कामकाज का ब्यौरा प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि बजट सत्र के दूसरे चरण में अपराध प्रक्रिया (पहचान) विधेयक-2022, दिल्ली के तीनों नगर निगम को एकीकृत करने संबंधी विधेयक समेत कई महत्वपूर्ण विधेयक पर सदन ने अपनी मुहर लगाई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 April 2022

shopia, Encounter , security forces , terrorists in Shopian

शोपियां। शोपियां जिले के हरिपोरा इलाके में गुरूवार सुबह सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ चल रही है। अभी तक किसी भी आतंकी के मारे जाने की सूचना नहीं है। बताया जा रहा है कि दो से तीन आतंकी सुरक्षाबलों के घेरे में फंसे हुए हैं। जानकारी के अनुसार सुरक्षाबलों को शोपियां के हरिपोरा इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिली। सूचना मिलने के आधार पर एसओजी, सेना व सीआरपीएफ का संयुक्त दल इलाके में पहुंचा और घेराबंदी कर आतंकियों की तलाश शुरू कर दी। तलाशी अभियान के दौरान छिपे आतंकियों ने जब सुरक्षाबलों को अपने नजदीक आते देखा तो उन पर गोलीबारी शुरू कर दी। जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। अभी तक किसी भी आतंकी के मारे जाने की सूचना नहीं है। खबर लिखे जाने तक सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी थी।   बता दें कि बुधवार को भी सुरक्षाबलों ने अवंतीपोरा के त्राल में हुई एक मुठभेड़ में अंसार गजवातुल हिंद और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी को मार गिराया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 April 2022

mumbai, Case registered ,against BJP leader, Kirit Somaiya , son

मुंबई। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. किरीट सोमैया के विरुद्ध पूर्व सैनिक अधिकारी बबन भोसले ने बुधवार देर रात मुंबई के ट्रांबे पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज करवाया है। इस मामले की छानबीन ट्रांबे पुलिस स्टेशन की टीम कर रही है। बबन भोसले शिवसेना विधायक सुनील राऊत के साथ बुधवार शाम को अतिरिक्त पुलिस आयुक्त संजय दराड़े से मिले थे। उन्होंने किरीट सोमैया तथा उनके बेटे नील सोमैया पर सेव आईएनएस विक्रांत के नाम पर लोगों से पैसा वसूलने तथा उस पैसे का अपहार करने की जानकारी दी। इसके बाद देर रात यह मामला ट्रांबे पुलिस स्टेशन में किरीट सोमैया तथा उनके बेटे नील सोमैया के विरुद्ध मामला दर्ज करवाया। उल्लेखनीय है कि बुधवार सुबह शिवसेना प्रवक्ता संजय राऊत ने पत्रकार वार्ता आयोजित कर किरीट सोमैया पर सेव आईएनएस विक्रांत के नाम पर लोगों से राजभवन में पैसा देने के नाम पर वसूली करने तथा यह पैसा राजभवन तक न पहुंचाने का आरोप लगाया था। हालांकि किरीट सोमैया ने इस मामले में कहा था कि संजय राऊत के पास कोई सबूत नहीं है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 April 2022

new delhi, Rapid changes , taken place, medical education sector

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को विश्व स्वास्थ्य दिवस पर देशवासियों को बधाई दी और स्वास्थ्य क्षेत्र के प्रति आभार व्यक्त किया। प्रधानमंत्री ने पिछले आठ साल में चिकित्सा शिक्षा क्षेत्र में तेजी से हुए परिवर्तन का जिक्र करते हुए सरकारी योजनाओं की सराहना की। प्रधानमंत्री ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा, आरोग्यं परमं भाग्यं स्वास्थ्यं सर्वार्थसाधनम्॥ अर्थात निरोगी होना परम भाग्य है और स्वास्थ्य से अन्य सभी कार्य सिद्ध होते हैं। उन्होंने आगे कहा, विश्व स्वास्थ्य दिवस की बधाई। सभी को अच्छे स्वास्थ्य और कल्याण का आशीर्वाद मिले। स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े सभी लोगों के प्रति आभार व्यक्त करने का भी आज का दिन है। यह उनकी कड़ी मेहनत है जिसने हमारे ग्रह को सुरक्षित रखा है। उन्होंने कहा कि जब मैं प्रधानमंत्री जन औषधि जैसी योजनाओं के लाभार्थियों के साथ बातचीत करता हूं तो मुझे बहुत खुशी होती है। सस्ती स्वास्थ्य सेवा पर हमारे ध्यान ने गरीबों और मध्यम वर्ग के लिए महत्वपूर्ण बचत सुनिश्चित की है। साथ ही हम समग्र स्वास्थ्य को और बढ़ावा देने के लिए अपने आयुष नेटवर्क को मजबूत कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 8 वर्षों में, चिकित्सा शिक्षा क्षेत्र में तेजी से परिवर्तन हुए हैं। कई नए मेडिकल कॉलेज खुल गए हैं। स्थानीय भाषाओं में चिकित्सा के अध्ययन को सक्षम बनाने के हमारी सरकार के प्रयास अनगिनत युवाओं की आकांक्षाओं को पंख देंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 April 2022

lucknow, Murtaza Abbasi, brought , ATS Headquarters

लखनऊ। गोरखनाथ मंदिर में तैनात सुरक्षाकर्मियों पर हमले के आरोपी मुर्तजा का आतंकी कनेक्शन सामने आया है। उसके घर की तलाश में मिले अहम सुरागों के साथ उसे लेकर एटीएस की टीम बुधवार को लखनऊ मुख्यालय पहुंच गई है। गोरखनाथ मंदिर के सुरक्षाकर्मियों पर हमला करने के आरोपी अहमद मुर्तजा अब्बासी का केस शासन ने उप्र एटीएस को ट्रांसफर कर दिया था। जिसके बाद एटीएस और एसटीएफ की सयुंक्त टीम मामले की जांच कर रही है। एटीएस ने कई बिन्दुओं पर आरोपित से पूछताछ की। इससे पहले मंगलवार रात कमरे की तलाशी में कुछ अहम दस्तावेज हाथ लगे हैं। कमरे की तलाशी लेने के साथ ही परिवार से पूछताछ की गई और फिर उसमें ताला बंद कर दिया गया है। कमरे में किसी को भी जाने से रोक दिया गया है। एटीएस के हाथ जो साक्ष्य लगे हैं, उससे यह बात निकलकर सामने आ रही है कि मुर्तजा आतंकी संगठन के सम्पर्क में था। मंगलवार रात करीब आठ बजे मुर्तजा का मेडिकल कराया गया और बुधवार तड़के कड़ी सुरक्षा में उसे लेकर एटीएस की टीम लखनऊ के लिए रवाना हुई जो 11 बजे के आसपास लखनऊ मुख्यालय पहुंच गई। इसके अलावा खुफिया विभाग से मिली अहम जानकारी के बाद एटीएस, एसटीएफ, और सुरक्षा जांच एजेंसी से जुड़ी कई टीमें नेपाल, मुंबई, कोयंबटूर, जामनगर, गाजीपुर और जौनपुर के अलावा कई जिलों में डेरा डाले हुए हैं। मुर्तजा से एटीएस मुख्यालय में पूछताछ की जायेगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 April 2022

new delhi, BJP , competition , vote bank politics, PM Modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को कहा कि देश में सालों तक वोट बैंक की राजनीति की जाती रही है, जिसकी नीति ‘कुछ लोगों को ही वायदे करो, ज्यादातर को तरसाकर रखो’ की थी। इस वोट बैंक की राजनीति के चलते देश में भ्रष्टाचार और भेदभाव पनपा और विकसित हुआ। भारतीय जनता पार्टी इस वोट बैंक की राजनीति को टक्कर देकर देशवासियों को इसके नुकसान समझाने में सफल रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को दिल्ली में वर्जुअल माध्यम से देशभर के भाजपा कार्यकर्ताओं को पार्टी स्थापना दिवस पर संबोधित किया। इस संबोधन कार्यक्रम में अन्य देशों के राजनयिकों को भी निमंत्रण दिया गया था। अपने संबोधन के दौरान हाल ही में समाप्त हुये विधानसभा चुनावों में पार्टी को मिली जीत का प्रधानमंत्री ने उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की वैचारिक निष्ठा अंत्योदय में है। दलित, पिछड़े, गरीब, युवा और अब महिलायें भी आगे आकर भाजपा को विजय तिलक लगा रही हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि वैश्विक या फिर राष्ट्रीय दृष्टिकोण दोनों से भाजपा और उसके कार्यकर्ता का दायित्व लगातार बढ़ रहा है। इसलिए भाजपा का प्रत्येक कार्यकर्ता, देश के सपनों का प्रतिनिधि है, देश के संकल्पों का प्रतिनिधि है। विपक्ष की राजनीति की शैली पर हमला करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ करने वाली ये पार्टियां, संविधान और संवैधानिक व्यवस्थाओं को भी कुछ नहीं समझतीं। ऐसी पार्टियों से आज भी हमारे कार्यकर्ता अन्याय, अत्याचार और हिंसा के खिलाफ लोकतांत्रिक मूल्यों के साथ लड़ रहे हैं। आगे उन्होंने कहा कि परिवारवादी पार्टियों ने देश के युवाओं को भी कभी आगे नहीं बढ़ने दिया, उनके साथ हमेशा विश्वासघात किया है। आज हमें गर्व होना चाहिए कि भाजपा इकलौती पार्टी है जो इस चुनौती से देश को सजग कर रही है, सतर्क कर रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 April 2022

mumbai, Shiv Sena spokesperson ,accused Kirit Somaiya

मुंबई। शिवसेना प्रवक्ता संजय राऊत ने भाजपा नेता किरीट सोमैया पर आईएनएस विक्रांत के नाम पर चंदे के रूप में वसूले गए 57 करोड़ रुपये राजभवन तक नहीं पहुंचाने का आरोप लगाया है। संजय राऊत ने कहा कि यह देशद्रोह का मामला है, केंद्र सरकार की जांच एजेंसियां अगर निष्पक्ष और पारदर्शक हैं तो मामले की जांच करनी चाहिए और किरीट सोमैया को दी गई सुरक्षा हटा लेनी चाहिए। संजय राऊत ने बुधवार को पत्रकारों को बताया कि भारतीय नौसेना का आईएनएस विक्रांत को स्क्रैप में डालने का निर्णय 2012 में रक्षा मंत्रालय ने लिया था। इसके बाद महाराष्ट्र के सांसदों का प्रतिनिधिमंडल तत्कालीन रक्षा मंत्री से मिला था, लेकिन रक्षा मंत्री ने कहा था कि आईएनएस विक्रांत को 1971 भारत-पाक युद्ध का म्युजियम बनाने के लिए 200 करोड़ रुपये का खर्च आने वाला है, जो केंद्र सरकार खर्च नहीं कर सकती है। इसके बाद किरीट सोमैया ने उस समय पत्रकार वार्ता कर कहा था कि वे आम जनता के बीच जाकर 200 करोड़ रुपये जमा करेंगे और जमा रकम राज्यपाल के पास जमा करेंगे। लेकिन राजभवन की ओर आरटीआई कार्यकर्ता को 17 फरवरी को दिए गए पत्र में कहा गया है कि इस तरह की कोई रकम नहीं आई है। संजय राऊत ने कहा कि उस समय किरीट सोमैया ने सेव विक्रांत के नाम पर आम जनता से 711 बाक्स में पैसे वसूले थे। यह बाक्स मुंबई के बिल्डर के कार्यालय में रखे गए थे। इस दौरान किरीट सोमैया के सेव विक्रांत के बाक्स में आईएनएस विक्रांत के 10 सेवानिवृत्त अधिकारियों ने 50 -50 हजार रुपये डाले थे। लेकिन बाद में आईएनएस विक्रांत स्कैप में बेच दिया गया और किरीट सोमैया ने जनता से वसूला गया 57 करोड़ रुपये अपने बेटे की कंपनी में तथा तत्कालीन चुनाव में खर्च किया गया। संजय राऊत ने कहा कि 57 करोड़ रुपये के आंकड़े अब तक मिल सके हैं, जबकि यह रकम 100 करोड़ रुपये से अधिक हो सकते हैं। संजय राऊत ने कहा कि यह भारत के इतिहास का सबसे बड़ा सैन्य घोटाला है, बोफोर्स से भी बड़ा घोटाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शहा, राष्ट्रीय भाजपा अध्यक्ष जे.पी. नड्डा, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल माध्यम से केंद्र सरकार को इस मामले की गहन छानबीन अपनी एजेंसियों से करवानी चाहिए। महाराष्ट्र में यह घटना हुई है, इसलिए महाराष्ट्र सरकार इसकी जांच करने वाली है। इसे लेकर किरीट सोमैया ने कहा कि संजय राऊत ने अब तक उनपर 17 आरोप लगाए हैं, लेकिन सबूत नहीं दिया है। यह आरोप भी पिछले आरोपों जैसे ही हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 April 2022

awantipura, Two terrorists killed, Awantipora encounter

अवंतीपोरा। अवंतीपोरा के त्राल में बुधवार सुबह से सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच जारी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया है। मुठभेड़ स्थल से आतंकियों के शवों के साथ हथियार और गोला-बारूद बरामद हुए हैं। मारे गए आतंकियों की पहचान अंसार गजवातुल हिंद के आतंकी सफत मुजफ्फर सोफी और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी उमर तेली के रूप में की गई है। सुरक्षाबलों ने इलाके में अन्य आतंकियों की आशंका के चलते अभियान जारी रखा हुआ है। पुलिस के एक अधिकारी के अनुसार अवंतीपोरा के त्राल इलाके में आतंकियों के देखे जाने के बाद एसओजी, सेना और सीआरपीएफ के जवानों ने साथ मिलकर तलाशी अभियान चलाया था। तलाशी अभियान के दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों को अपने पास आते देख उनपर गोलीबारी शुरू कर दी जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया। इससे पहले सुरक्षाबलों ने आतंकियों को आत्मसमर्पण करने का मौका दिया परंतु जब उन्होंने हथियार डालने से इनकार दिया तो सुरक्षाबलों ने दोनों आतंकियों को मार गिराया। मुठभेड़ स्थल से आतंकियों के शवों के साथ हथियार और गोला-बारूद बरामद हुए।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 April 2022

srinagar, CRPF jawan martyred,terrorist attack

श्रीनगर। मेसूमा इलाके में आतंकियों ने सोमवार को सीआरपीएफ के जवानों पर हमला कर दिया। इस हमले में सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया, जबकि एक अन्य जवान घायल हो गया है। सुरक्षाबलों ने आतंकियों की धर पकड़ के पूरे इलाके को घेर कर तलाशी अभियान चलाया है। जानकारी के अनुसार श्रीनगर के मेसूमा इलाके में सोमवार दोपहर बाद आतंकियों ने ड्यूटी पर तैनात सीआरपीएफ के जवानों पर अचानक गोलीबारी कर हमला कर दिया। इस हमले में दो जवान घायल हो गए। आतंकी हमला करने के तुरन्त बाद मौके से भागने में कामयाब रहे। घायल जवानों को तुरन्त नजदीकी अस्पताल में भर्ती करवाया है लेकिन उपचार के दौरान सीआरपीएफ के एक जवान ने दम तोड़ दिया। दूसरे घायल जवान का इलाज जारी है। शहीद जवान की पहचान विशाल के रूप में हुई है। सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर आतंकियों की धरपकड़ के लिए तलाशी अभियान चला रखा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 April 2022

new delhi, Modi discusses ,Ukraine and bilateral issues

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को इजरायल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट के साथ टेलीफोन पर बात की। दोनों नेताओं ने यूक्रेन की स्थिति सहित हाल के भू-राजनीतिक घटनाक्रमों पर विस्तृत चर्चा की। उन्होंने आपसी द्विपक्षीय सहयोग पहलों की भी समीक्षा की। प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार मोदी ने बेनेट के कोविड-19 से शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की। उन्होंने इजरायल में हाल ही में हुए आतंकवादी हमलों में लोगों की जान जाने पर भी संवेदना व्यक्त की। साथ ही बेनेट के जल्द से जल्द भारत आगमन और स्वागत के लिए अपनी उत्सुकता व्यक्त की। इजरायल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट को 3-5 अप्रैल को भारत की आधिकारिक यात्रा पर आना था। प्रधानमंत्री के तौर पर यह उनकी पहली भारत यात्रा होती। हालांकि यात्रा से पूर्व कोविड-19 से संक्रमित होने के चलते यात्रा संभव नहीं हो पायी। विदेश मंत्रालय के अनुसार भारत और इजरायल के बीच पूर्ण राजनयिक संबंधों के 30 साल पूरे हुए हैं। जुलाई 2017 में प्रधानमंत्री मोदी की इजरायल की ऐतिहासिक यात्रा के दौरान भारत और इजरायल ने अपने द्विपक्षीय संबंधों को एक रणनीतिक साझेदारी तक बढ़ाया था। दोनों नेताओं ने इससे पहले पिछले साल नवंबर में कॉप-26 के मौके पर ग्लासगो में मुलाकात की थी। उन्होंने पिछले साल 16 अगस्त को टेलीफोन पर बातचीत भी की थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 April 2022

new delhi, Congress will raise , issue of rising prices

  नई दिल्ली। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में लगातार इजाफा हो रहा है। बीते 10 दिनों में इनके दामों में करीब आठ रुपये की वृद्धि हुई है। केन्द्र सरकार का इन मुद्दों पर मौन रहना दुखद है। खड़गे ने सोमवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि कांग्रेस महंगाई और पेट्रोल,डीजल व रसोई गैस की कीमतों को लेकर आवाज उठाती रही है। खड़गे ने कहा कि उन्होंने इसके खिलाफ सदन में नोटिस दिया है। पार्टी पुन: संसद में यह मुद्दा उठाएगी। उल्लेखनीय है कि बीते दिनों खड़गे ने अपने बयान में कहा था कि केन्द्र सरकार पेट्रोल, डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध को जिम्मेदार बता रही है। लेकिन सच यह है कि यहां से भारत सिर्फ एक फीसदी तेल ही खरीदता है। खड़गे ने कहा था कि केन्द्र को आम लोगों के हितों से कोई मतलब नहीं है।   कांग्रेस महंगाई और पेट्रोल, डीजल सहित रसोई गैस के बढ़ते दामों को लेकर लगातार केन्द्र की भाजपा सरकार पर हमलावर है। इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी पार्टी नेताओं के साथ विजय चौक पर प्रदर्शन कर चुके हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 April 2022

new delhi, 6 new members ,took oath , membership in Rajya Sabha

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उम्मीदवार के तौर पर निर्विरोध निर्वाचित होने के बाद सोमवार को एस फान्गनॉन कोन्यक ने राज्यसभा की सदस्यता की शपथ ली। वह नगालैंड से उच्च सदन में पहुंचने वाली पहली महिला सदस्य हैं। इसके साध ही पूर्वोत्तर से राज्यसभा पहुंचने वाली भाजपा की पहली महिला सदस्य भी हैं। कोन्यक के साथ ही पांच अन्य निर्वाचित सदस्यों ने भी उच्च सदन की सदस्यता की शपथ ली। इसके साथ ही वर्ष 1990 के बाद उच्च सदन में 100 का आंकड़ा पार करने वाली भाजपा पहली पार्टी बन गई है। कोन्यक नगालैंड भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष हैं। राज्यसभा सभापति एम. वेंकैया नायडू ने सोमवार को असम, केरल और नगालैंड के नवनिर्वाचित 6 सदस्यों को सदन की सदस्यता की शपथ दिलाई। कोन्यक ने नगालैंड की पारंपरिक वेशभूषा में शपथ ली। उनके अलावा, शपथ ग्रहण करने वालों में असम से भाजपा की पवित्र मार्गरिटा, यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल) के रवंगवरा नारजारी, केरल से कांग्रेस की जेबी माथेर हीशम, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के संदोष कुमार और मार्क्सवादी पार्टी (माकपा) के एए रहीम शामिल हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 April 2022

lucknow, ATS begins probe, attack on security personnel ,Gorakhpur temple

लखनऊ। गोरखनाथ मंदिर के मुख्य गेट पर तैनात दो सुरक्षाकर्मियों पर रविवार देर रात को हुए हमले के मामले की एटीएस ने जांच शुरू कर दी है। जांच एजेंसी घटना को आतंकी कनेक्शन अथवा फिर कोई बड़ी साजिश मान कर तहकीकात कर रही है। हालांकि इसको लेकर एटीएस की ओर से अभी तक कोई बयान नहीं आया है, लेकिन पकड़े गए आरोपित के लैपटॉप में कई संदिग्ध गतिविधियां और बम बनाने जैसी जानकारी मिलने की बात सामने आ रही है। अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने प्रकरण की जांच एटीएस को सौंपे जाने की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि गोरखपुर की घटना को गंभीरता से लेते हुए मामले की जांच एटीएस को सौंपी गई है।     गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में तैनात सिपाही गोपाल गौड़ और अनिल पासवान पर धारदार हथियार से हमला किया गया था। उनके पैर में गंभीर चोटें आईं हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। सुरक्षाकर्मियों की मानें तो आरोपित शख्स गोरखनाथ मंदिर परिसर में घुसना चाहता था, मना करने पर उसने हमला कर दिया। सिपाही ने उसे धर दबोचा। पूछताछ में आरोपित ने अपना नाम अहमद मुर्तजा अब्बासी बताया। उसका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। उसके पास मिले लैपटॉप से कुछ संदिग्ध जानकारियां मिली हैं, जो आतंकी गातिविधियों से जोड़कर देखी जा रही हैं। आरोपित मुर्तजा आईआईटी मुंबई से केमिकल इंजीनियरिंग में स्नातक है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 April 2022

punch, large number ,arms and ammunition, recovered in Poonch

पुंछ। पुंछ जिले की नियंत्रण रेखा के साथ सटे नूरकोट गांव में सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के एसओजी के जवानों ने रविवार देर रात को काफी संख्या में हथियार और गोला-बारूद बरामद किया है। सोमवार को पुलिस के अधिकारी ने बताया कि पुंछ जिले की तहसील हवेली के नूरकोट गांव में व्हाइट नाइट कोर की पुंछ ब्रिगेड और एसओजी पुंछ के जवानों ने गुप्ता सूचना के आधार पर तलाशी अभियान चलाया था। तलाशी अभियान के दौरान सुरक्षाबलों ने नूरकोट गांव में एक जगह एक पोटली देखी। जब उसे खोला गया तो उसमें दो एके.47 राइफल, दो एके.47 मैगजीन, एक 223 बोर की एके शेप गन हैंडग्रिप के साथ, 233 बोर की एके शेप गन की दो मैगजीन, एक चाइनीज पिस्टल, एक चाइनीज पिस्टल मैगजीन, 63 एके.47 राउंड, एक 223 बोर एके शेप गन के बीस राउंड, चार चीनी पिस्टल राउंड बरामद हुए। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हथियारों को देख ऐसी आशंका जताई जा रही है कि आतंकियों द्वारा किसी हमले को अंजाम देने के इरादे से उसे यहां छिपाए गए थे। सुरक्षाबलों ने नूरकोट गांव में आतंकियों की मौजूदगी की आशंका के चलते तलाशी अभियान आज यानि सोमवार को भी जारी रखा हुआ है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 April 2022

pulwama, Two injured, terrorist attack , Pulwama

पुलवामा। पुलवामा जिले के लीटर इलाके में रविवार शाम को आतंकियों ने दो गैर-स्थानीय लोगों को गोली मार दी, जिसके चलते दोनों घायल हो गए। जिस समय आतंकियों ने दोनों पर हमला किया, उस समय वह पोल्ट्री वाहन से जा रहे थे। पुलिस के एक अधिकारी के अनुसार रविवार शाम को आतंकियों ने दो गैर-स्थानीय (पठानकोट) निवासियों पर हमला कर दिया। इस हमले में दोनों घायल हो गए। घायल चालक धीरज दत्ता और सह-चालक को उपचार के लिए जिला अस्पताल पुलवामा पहुंचाया गया, जहां पर डाक्टरों ने उनकी गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें श्रीनगर के एसएमएचएस अस्पताल रेफर कर दिया। हमला करने के तुरन्त बाद आतंकी मौके से भाग निकले। सुरक्षाबलों ने आतंकियों की धर-पकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। समाचार लिखे जाने तक सुरक्षाबलों का तलाशी अभियान जारी था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 April 2022

mumbai,11 coaches , express train ,derailed, Nashik station

मुंबई। नासिक स्टेशन के पास लोकमान्य तिलक टर्मिनस-जयनगर एक्सप्रेस के 11 डिब्बे बेपटरी हो जाने से एक यात्री की मौत हो गई और 5 घायल हो गए। इस घटना की जानकारी मिलते ही रेलवे की मरम्मत टीम मौके पर पहुंच गई और घटनास्थल पर राहत तथा बचाव कार्य जारी है। मध्य रेलवे के मुख्य प्रवक्ता शिवाजी सुतार ने बताया कि इस घटना के बाद 8 दूरगामी ट्रेनों को रद्द कर दिया है, 3 ट्रेनों का रूट बदला गया है और दो ट्रेनें आंशिक रूप से रद्द की गई हैं। रविवार को अपराह्न 3 बजकर 10 मिनट पर नासिक तथा देवलाली स्टेशन के बीच अचानक लोकमान्य तिलक टर्मिनस- जयनगर एक्सप्रेस के 11 डिब्बे बेपटरी हो गए थे। इस घटना में एक यात्री की मौत तथा 5 यात्री घायल हो गए। घटना की जानकारी मिलते ही नासिक जिला प्रशासन तथा रेलवे के अधिकारी दल बल सहित मौके पर पहुंचे और राहत व बचाव कार्य शुरु कर दिया । समाचार लिखे जाने तक रेलवे पुलिस की टीम इस घटना में मृतक तथा घायल यात्रियों की पहचान खबर नहीं कर सकी थी। घायलों को तत्काल नासिकरोड में बिटको अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया है। घटनास्थल पर रेलवे की पटरी उखड़ गई है, जिसे रेलवे की टीम दुरुस्त करने का प्रयास कर रही है। इस हादसे के मद्देनजर निजामुद्दीन मंगला एक्सप्रेस, जालना जनशताब्दी एक्सप्रेस, जबलपुर गरीब रथ, वाराणसी एक्सप्रेस, एलटीटी गोरखपुर समर एक्सप्रेस सहित 8 ट्रेनों की सेवा रद्द कर दी गई है। इसी तरह निजामुद्दीन राजधानी एक्सप्रेस समेत 3 ट्रेनों का रूट बदल दिया गया है और तीन ट्रेनों को शार्ट टर्मिनेट किया गया है। मध्य रेलवे के मुख्य प्रवक्ता शिवाजी सुतार ने कहा कि फिलहाल इस दुर्घटना के कारणों का पता नहीं चल सका है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 April 2022

varansi,Deuba kept seeing , new form , Kashi Vishwanath Dham

वाराणसी। नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने रविवार को पत्नी आरजू राणा देउबा और 40 सदस्यीय दल के साथ श्री काशी विश्वनाथ के स्वर्णिम गर्भगृह में हाजिरी लगाई। गर्भगृह में वैदिक ब्राह्मणों के आचार्यत्व में मंत्रोच्चार के बीच नेपाल के प्रधानमंत्री ने पत्नी के साथ बाबा के ज्योर्तिलिंग का पूरे श्रद्धा के साथ अभिषेक किया। नेपाल के प्रधानमंत्री ने अपने देश में सुख समृद्धि के लिए बाबा से कामना की। इसके पहले मंदिर प्रबंधन ने मेहमान प्रधानमंत्री और उनके साथ आये दल का स्वागत किया। मंदिर में दर्शन-पूजन के बाद नेपाल के प्रधानमंत्री ने काशी विश्वनाथ धाम के नव्य और विस्तारित स्वरूप की अद्भुत छटा देखी तो अपलक देखते ही रह गये। यही हाल उनके साथ आये दल का भी रहा। साथ में मौजूद प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेहमान प्रधानमंत्री को काशी के नव्य और भव्य स्वरूप के बारे में भी अवगत कराया। देउबा का काशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नंबर-4 के पास नागरिकों ने भव्य स्वागत किया। ढोल-नगाड़े और डमरू की गूंज के साथ हर-हर महादेव के उद्घोष के बीच नेपाल के प्रधानमंत्री ने बाबा विश्वनाथ के मंदिर में प्रवेश किया। अयोध्या और मथुरा के कलाकारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। अयोध्या से पहुंचीं महिला कलाकारों ने नृत्य प्रस्तुत किया। भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ नागरिकों ने हाथ में तिरंगा और नेपाल का झंडा लहरा मेहमानों का पूरे गर्मजोशी से स्वागत किया।   प्रधानमंत्री देउबा ने काशी विश्वनाथ मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना के बाद धाम से होते हुए ललिता घाट स्थित साम्राज्येश्वर पशुपतिनाथ महादेव मंदिर पहुंचे। यहां मंदिर प्रबंधन ने नेपाली परम्परा के अनुसार अपने प्रधानमंत्री का स्वागत किया। ललिता घाट के पास स्थित मंदिर बाहर से देखने में हूबहू नेपाल के प्रसिद्ध पशुपतिनाथ की प्रतिमूर्ति है। इसलिए इसे काशी का पशुपतिनाथ भी कहा जाता है। इसका निर्माण नेपाल की राजधानी काठमांडू स्थित पशुपतिनाथ मंदिर की तर्ज पर किया गया है। नेपाली मंदिर में दर्शन पूजन के बाद मेहमान प्रधानमंत्री और उनके साथ आया दल नदेसर स्थित एक तारांकित होटल में दोपहर का भोजन कर कुछ देर आराम करेगा। इसके बाद नेपाल के देउबा और मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की आधा घंटे विभिन्न मुद्दों पर वार्ता होगी। यहां से प्रधानमंत्री देउबा एयरपोर्ट जाएंगे। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ भी उन्हें विदा करने के लिए साथ एयरपोर्ट जाएंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 April 2022

mumbai, Sharad Pawar , does not wish , President of UPA

मुंबई। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि उन्हें यूपीए का अध्यक्ष बनने की कोई इच्छा नहीं है, लेकिन वे विरोधी दलों को एकजुट करने का प्रयास करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि देश में तेजी से बढ़ रही महंगाई पर बोलने की फुर्सत मोदी सरकार को नहीं है, जबकि महंगाई से लोगों की हालत खराब होती जा रही है। देश में इस समय केंद्रीय जांच एजेंसियों का जितना राजनीतिक उपयोग किया जा रहा है, उतना पहले कभी नहीं हुआ था। शरद पवार ने रविवार को कोल्हापुर में पत्रकारों को बताया कि कांग्रेस पार्टी ने सिर्फ एकबार आपातकाल लगाने की गलती की थी, उसकी सजा कांग्रेस को भुगतनी पड़ी थी। कांग्रेस पार्टी की सरकार चली गई थी, लेकिन जब जनता को समझ में आ गया तो दो साल बाद देश की जनता ने फिर से कांग्रेस को सत्ता दे दी थी। लेकिन इस समय केंद्र सरकार ने आपातकाल से भी बदतर हालत बना दिया है। अनिल देशमुख के बारे में पहले चार्जशीट में 100 करोड़ का मामला बताया गया, दूसरी बार यह रकम घटकर 4.7 करोड़ हो गई और अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कोर्ट को बता रहा है कि घोटाले की रकम 1.7 करोड़ रुपये ही है। अनिल देशमुख के घर तथा कार्यालय पर केंद्रीय जांच एजेंसियों ने 110 छापा मारा है, यह आपातकाल से ही भयंकर है। देश की जनता यह सब देख रही है और समय आने पर अपना जवाब देगी। शरद पवार ने कहा कि केंद्र सरकार का काम पोषक माहौल बनाना रहता है, लेकिन इस समय समाज में जहर बोने का काम हो रहा है। कश्मीर फाइल्स नामक फिल्म बनाने की जरूरत ही नहीं थी। इसी तरह देश में समाज-समाज के बीच जहर बोया जा रहा है। देश में हर दिन जिस तरीके से पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ रही हैं, इस तरह की वृद्धि इससे पहले कभी नहीं हुई थी। इसका असर देश में महंगाई पर हो रहा है लेकिन मोदी सरकार इस ओर ध्यान ही नहीं दे रही है। शरद पवार ने कहा कि केंद्र सरकार को देश में महंगाई कम करने पर प्राथमिकता से काम करना चाहिए, जिससे आम जनता को राहत मिल सके।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 April 2022

new delhi,Farmers

नई दिल्ली। कांग्रेस बढ़ती महंगाई को लेकर केन्द्र सरकार पर लगातार हमलावर है। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि पहले तो पेट्रोल,डीजल और रसोई गैस के दाम बढ़ाए फिर इस सरकार ने डीएपी के दाम बढ़ा दिए। इससे किसानों को महंगाई की दोहरी मार झेलनी पड़ेगी। सुरजेवाला ने कहा कि डीएपी पर अब किसानों को प्रति बोरी 150 रुपये अधिक देना पड़ेगा। पहले किसान एक बोरी 1200 रुपये में खरीदते थे और अब उन्हें 1350 रुपये एक बोरी के चुकाने पड़ेंगे। उन्होंने कहा कि डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं बीते कुछ दिनों में इसके दाम में 6.40 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हुई है। सुरजेवाला ने कहा कि किसान लंबे समय से न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की मांग कर रहे हैं लेकिन केन्द्र सरकार ने किसानों की इस मांग को अनसुना कर दिया है। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस बढ़ती महंगाई और पेट्रोल,डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों को लेकर केन्द्र की भाजपा सरकार पर लगातार हमलावर है। कांग्रेस नेताओं ने गुरुवार को राहुल गांधी के नेतृत्व में विजय चौक पर पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 April 2022

new delhi,Status report summoned , Delhi Police

नई दिल्ली। दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर हुई हिंसा पर दिल्ली पुलिस से स्टेटस रिपोर्ट तलब की है। कार्यकारी चीफ जस्टिस विपिन सांघी की अध्यक्षता वाली बेंच ने दो हफ्ते में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया है। मामले की अगली सुनवाई 25 अप्रैल को होगी। कोर्ट ने कहा कि आज सुबह तक की रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले में आठ लोगों की गिरफ्तारी की गई है। कोर्ट ने सभी सीसीटीवी फुटेज संरक्षित रखने का आदेश दिया। कोर्ट ने उत्तर दिल्ली डीसीपी के इस बयान को दर्ज किया कि सभी दूसरे साक्ष्यों को संरक्षित रखा गया है।   सुनवाई शुरू होते ही केंद्र सरकार की ओर से कहा गया कि इस मामले पर गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस से बात की है और सुरक्षा के मसले का हल किया जाएगा। याचिकाकर्ता सौरभ भारद्वाज की ओर से वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि दिल्ली पुलिस की सुरक्षा के बावजूद ऐसा होना सवाल खड़े करता है। सिंघवी ने इस मामले में दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी करने की मांग की। सिंघवी की इस मांग का एएसजी संजय जैन ने विरोध करते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस ने 24 घंटे के अंदर एफआईआर दर्ज की है। दिल्ली पुलिस कार्रवाई कर रही है। अगर जनहित याचिका पर नोटिस जारी होगा तो गलत परंपरा की शुरुआत होगी।   सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि हमने वीडियो देखा है। वो अराजक भीड़ थी। कैमरे तोड़ दिए गए। लोगों ने गेट पर चढ़कर उसे पार करने की कोशिश की। भीड़ ने कानून अपने हाथ में ले लिया था। कोर्ट ने कहा कि मुख्यमंत्री आवास पर पुलिस बंदोबस्त भी मजबूत नहीं था। इस पर संजय जैन ने कहा कि याचिकाकर्ता एक राजनीतिक व्यक्ति हैं और ये याचिका राजनीति से प्रेरित है। कोर्ट आने से पहले मामला प्रेस में चला गया। दिल्ली पुलिस ने किसी को प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी थी। इसकी जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस मामले की अगर कोर्ट की निगरानी में जांच का आदेश दिया जाता है तो इसका गलत संदेश जाएगा। तब कोर्ट ने कहा कि अगर आप नोटिस जारी करने को लेकर इतने संवेदनशील हैं तो आपको इसकी जांच को लेकर गंभीर होना होगा।   सुनवाई के दौरान वरिष्ठ वकील राहुल मेहरा ने कहा कि दिल्ली पुलिस कोई चैरिटी नहीं कर रही है। दिल्ली पुलिस कह रही है कि वो सचिवालय के साथ मिलकर बात करेंगे। अगर प्रधानमंत्री कार्यालय के बाहर कुछ होता है तो क्या वे ऐसे ही करेंगे। पंजाब में तो केवल 20 मिनट का जाम हुआ था लेकिन उसके बाद क्या हुआ। दिल्ली पुलिस कह रही है कि इस मामले में मुख्यमंत्री को कोर्ट आना चाहिए। प्रधानमंत्री की सुरक्षा चूक पर सुप्रीम कोर्ट कौन गया था। तब कोर्ट ने कहा कि हम याचिकाकर्ता पर कुछ नहीं कह रहे हैं।   आम आदमी पार्टी की ओर से सौरभ भारद्वाज ने इस मामले की एसआईटी से जांच की मांग की है।   वकील भरत गुप्ता के जरिए दायर याचिका में कहा गया है कि पिछले 30 मार्च को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आधिकारिक आवास पर भाजपा के गुंडों की ओर से तोड़फोड़ की गई। प्रदर्शन की आड़ में इस घटना को अंजाम दिया गया। याचिका में कहा गया है कि भाजपा के गुंडों ने डंडों से सीसीटीवी कैमरे तोड़ दिए और उस गेट पर चढ़ गए जिसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी दिल्ली पुलिस की है। याचिका में आरोप लगाया गया है कि इस घटना में दिल्ली पुलिस की भी भूमिका संदेहास्पद है। याचिका में कहा गया है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री को जेड प्लस सुरक्षा होने के बावजूद अगर उनके आवास पर इस तरह की तोड़फोड़ की जाती है तो दिल्ली पुलिस के जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई की जाए।   याचिका में कहा गया है कि सबको प्रदर्शन के जरिए विरोध करने का संवैधानिक अधिकार है लेकिन प्रदर्शन में हिंसा करने का अधिकार किसी को नहीं है। याचिका में रिटायर्ड जज की अध्यक्षता में एसआईटी गठित करने की मांग की गई है। याचिका में कहा गया है कि एसआईटी की जांच जल्द से जल्द शुरू हो ताकि सुबूत से छेड़छाड़ ना हो सके। याचिका में घटना के की सारे फोटो भी लगाए गए हैं।   याचिका में मांग की गई है कि दिल्ली पुलिस को दिशा-निर्देश जारी किए जाएं कि घटना से जुड़े साक्ष्य और सीसीटीवी फुटेज संरक्षित रखे जाएं। याचिका में मांग की गई है कि दिल्ली पुलिस संबंधित घटना की केस डायरी कोर्ट के समक्ष पेश करे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 April 2022

new delhi, Shock Maharashtra government , Anil Deshmukh case

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ जांच सीबीआई से वापस लेकर एसआईटी को सौंपने की महाराष्ट्र सरकार की मांग को खारिज कर दिया है। राज्य सरकार की दलील थी कि सीबीआई निदेशक एसके जायसवाल राज्य के डीजीपी रह चुके हैं इसलिए, उनके नेतृत्व में हो रही जांच निष्पक्ष नहीं रह सकती। उल्लेखनीय है कि बांबे हाई कोर्ट ने अनिल देशमुख पर परमबीर सिंह की ओर से लगाए गए आरोपों की सीबीआई जांच का आदेश दिया था। हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ अनिल देशमुख ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खट-खटाया था। सुप्रीम कोर्ट ने अनिल देशमुख की याचिका को खारिज कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार और अनिल देशमुख की अर्जी को खारिज करते हुए कहा था कि जिस तरह के आरोप लगे हैं और जिस हैसियत के शख्स पर आरोप लगे हैं, इसकी स्वतंत्र जांच एजेंसी से जांच जरूरी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 April 2022

new delhi, Russian Foreign Minister ,calls on PM Modi

नई दिल्ली। रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की। रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के दौरान रूसी विदेश मंत्री का भारत दौरा खासा महत्वपूर्ण और वैश्विक चर्चा का विषय बना हुआ है। प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने प्रधानमंत्री मोदी को यूक्रेन की स्थिति के बारे में जानकारी दी, जिसमें वर्तमान में जारी शांति वार्ता भी शामिल रही। प्रधानमंत्री ने हिंसा को शीघ्र समाप्त करने के अपने आह्वान को दोहराया और कहा कि भारत शांति प्रयासों में किसी भी तरह का योगदान देने के लिए सदैव तैयार है। रूसी विदेश मंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी को दिसंबर 2021 में आयोजित भारत-रूस द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन के दौरान लिए गए निर्णयों की प्रगति के बारे में जानकारी भी दी। यूक्रेन जारी सैन्य कार्यवाही के बीच रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव दो दिवसीय भारत यात्रा पर हैं। आज उन्होंने विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ द्विपक्षीय संबंधों और रूस के खिलाफ अमेरिका एवं पश्चिमी देशों के प्रतिबंधों के मद्देनजर ऊर्जा, आयात सहित व्यापारिक संबंधों का लेखा जोखा-लिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 April 2022

new delhi,Competition, biggest gift of life,PM

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि कॉम्पिटिशन (प्रतिस्पर्धा) को हमें जीवन की सबसे बड़ी सौगात मानना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर कॉम्पिटिशन ही नहीं है तो जिंदगी नीरस सी हो जाती है। यहां तोलकटोरा इंडोर स्टेडियम में टाउन हॉल इंटरएक्टिव प्रारूप में कक्षा नौ से 12वीं तक के विद्यार्थियों, बच्चों के माता-पिता और शिक्षकों को संबोधित किया। उन्होंने यहां छात्रों के सवालों के जवाब भी दिए। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सच में तो हमें कॉम्पिटिशन को आमंत्रित करना चाहिए, तभी तो हमारी कसौटी होती है। कॉम्पिटिशन जिंदगी को आगे बढ़ाने का एक अहम माध्यम होता है, जिससे हम अपना मूल्यांकन भी कर सकते हैं।   उन्होंने कॉम्पिटिशन को जीवन की सबसे बड़ी सौगात बताते हुए कहा कि कॉम्पिटिशन ही हमारी कसौटी होती है। कॉम्पिटिशन जिंदगी को आगे बढ़ाने का बेहतरीन माध्यम है। उन्होंने कहा कि सिर्फ परीक्षा के लिए दिमाग खपाने के बजाय खुद को योग्य, शिक्षित व्यक्ति बनाने के लिए, विषय का मास्टर बनने के लिए हमें मेहनत करनी चाहिए। फिर परिणाम जो मिलेगा, सो मिलेगा।   उन्होंने छात्रों को एकाग्रचित्त होकर लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करने का टिप्स देते हुए कहा कि ध्यान बहुत सरल है। आप जिस पल में हैं, उस पल को जीने की कोशिश कीजिए। अगर आप उस पल को जी भरकर जीते हैं तो वो आपकी ताकत बन जाता है। उन्होंने आगे कहा कि ईश्वर की सबसे बड़ी सौगात वर्तमान है। जो वर्तमान को जान, समझ पाता है, जो उसे जी पाता है, उसके लिए भविष्य के लिए कोई प्रश्न नहीं होता है।   प्रधानमंत्री ने छात्रों को खुद का मूल्यांकन करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि कभी-कभी आप खुद का भी एग्जाम लें, अपनी तैयारियों पर मंथन करें, रीप्ले (दोहराना) करने की आदत बनाएं, इससे आपको नई दृष्टि मिलेगी। उन्होंने कहा कि अनुभव को आत्मसात करने वाले रीप्ले बड़ी आसानी से कर लेते हैं, जब आप खुले मन से चीजों से जुड़ेंगे तो कभी भी निराशा आपके दरवाजे पर दस्तक नहीं दे सकती। जिस चीज में आपको आनंद आता है, आपको उसके लिए अपने आप को कम से कम एडजस्ट करना पड़ता है, वो रास्ता छोड़ने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा किउस कंफर्ट अवस्था में भी आपका काम है आपकी पढ़ाई और अधिकतम परिणाम उसमें से आपको जरा भी हटना नहीं है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 April 2022

sophia,One terrorist killed, Shopian encounter

शोपियां। शोपियां जिले के तुर्कवागाम इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच जारी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने अभी तक एक आतंकी को मार गिराया है। अभी और आतंकी सुरक्षाबलों के घेरे में फंसे हुए हैं जिन्हें मार गिराने के लिए सुरक्षाबलों द्वारा अभियान जारी है। पुलिस ने बताया है कि मारे गए आतंकी की पहचान अभी नहीं हो पाई है। जानकारी के अनुसार सुरक्षाबलों को गुरुवार रात को शोपियां जिले के तुर्कवागाम इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इसके बाद एसओजी, सेना और सीआरपीएफ के संयुक्त दल ने इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया था। तलाशी अभियान के दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों को अपने पास आता देख उन पर गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। सुरक्षाबलों ने अंधेरा होने के चलते मुठभेड़ बंद कर दी और चारों ओर से आतंकियों को पूरी रात घेरा रखा। शुक्रवार सुबह होते ही सुरक्षाबलों ने सबसे पहले आतंकियों को आत्मसर्मपण करने का मौके दिया, लेकिन आतंकी नहीं माने और उन्होंने गोलीबारी शुरू कर दी जिसके बाद फिर मुठभेड़ शुरू हो गई। इसी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने शुक्रवार सबुह एक आतंकी को ढेर कर दिया है। अभी और आतंकी सुरक्षाबलों के घेरे में फंसे हुए है जिन्हें मार गिराने के लिए सुरक्षाबलों द्वारा अभियान जारी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 April 2022

new delhi,Northeast is witnessing, new era,Union Home Minister

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पूर्वोत्तर के नागालैंड, असम और मणिपुर में सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम (एएफएसपीए) के तहत अशांत क्षेत्रों को कम करने के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि यह एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने पूर्वोत्तर वासियों को बधाई देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अटूट प्रतिबद्धता से हमारा पूर्वोत्तर क्षेत्र जो दशकों से उपेक्षित था, अब शांति, समृद्धि और अभूतपूर्व विकास के एक नए युग का गवाह बन रहा है। शाह ने गुरुवार को सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्णायक नेतृत्व में एक महत्वपूर्ण कदम के तहत दशकों बाद नागालैंड, असम और मणिपुर राज्यों में सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम (एएफएसपीए) के तहत अशांत क्षेत्रों को कम करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि एएफएसपीए के तहत आने वाले क्षेत्रों में कमी, सुरक्षा की स्थिति में सुधार और प्रधानमंत्री द्वारा उत्तर पूर्व में स्थायी शांति लाने और उग्रवाद को समाप्त करने के लिए लगातार प्रयासों और कई समझौतों के कारण तेजी से विकास का परिणाम है। शाह ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए पूर्वोत्तर वासियों को बधाई दी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 March 2022

new delhi,Petrol and diesel ,prices increased ,9 times 10 days,Rahul Gandhi

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि बीते 10 दिनों में पेट्रोल-डीजल के दाम 9 बार बढ़ाए जा चुके हैं। केन्द्र सरकार को आम जनता की कोई परवाह नहीं है। राहुल गांधी ने गुरुवार को विजय चौक पर पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के बढ़े दामों को लेकर कांग्रेस सांसदों और नेताओं के साथ विजय चौक पर प्रदर्शन किया। इस दौरान राहुल ने मोटर साइकिल और गैस सिलेंडर पर माला चढ़ा कर विरोध किया। राहुल ने कहा कि पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने के कारण मध्यम वर्ग और गरीब लोगों को काफी परेशानी हो रही है। प्रदर्शन के दौरान राहुल गांधी ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी अब सभी राज्यों और जिला स्तर पर महंगाई को लेकर प्रदर्शन कर रही है। प्रदर्शन के दौरान हमने विशेषकर तेल के दामों में इजाो का मुद्दा उठाया है। पिछले 10 दिन में 9 बार पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ी हैं और इसकी चोट सीधे सबसे गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों पर पड़ती है। कांग्रेस की मांग है कि सरकार पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाना बंद करे। जबतक ऐसा नहीं होता पूरे देश में ये हमारा प्रोटेस्ट चलता रहेगा। राहुल ने कहा कि भारत में पेट्रोल के दाम अफगानिस्तान, पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश, भूटान, नेपाल से भी अधिक हैं। यहां पेट्रोल के दाम 101.81 है। जबकि अफगानिस्तान में 66.99 और पाकिस्तान में 62.38 रुपये प्रति लीटर हैं। उन्होंने कहा कि पेट्रोल, डीजल के दाम बढ़ रहे हैं। इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री को जवाब देना चाहिए। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों को लेकर भाजपा पर लगातार हमलावर है। कांग्रेस नेता कार्यकर्ता दूसरे राज्यों में भी प्रदर्शन कर रहे हैं। इस मुद्दे को लेकर वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी मामला राज्यसभा में उठाया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 March 2022

new delhi,Eight arrested,vandalizing Chief Minister

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सिविल लाइंस स्थिति सरकारी आवास पर हुई तोड़फोड़ के आरोप में आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। इनसे बाकी लोगों के बारे में पूछताछ की जा रही। सीसीटीवी की मदद से भी बाकी लोगों की पहचान करने का प्रयास किया जा रहा है।इस घटना की एफआईआर बुधवार शाम दर्ज की गई थी। डीसीपी सागर सिंह कलसी के मुताबिक भारतीय जनता युवा मोर्चा ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर बुधवार को प्रदर्शन किया था। सुबह करीब 11:30 बजे 150-200 प्रदर्शनकारी मुख्यमंत्री आवास से कुछ दूर एकत्र हुए थे। यह लोग मुख्यमंत्री के विधानसभा में ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म को लेकर दिए गए बयान का विरोध कर रहे थे। उन्होंने बताया कि दोपहर करीब एक बजे इनमें से कुछ प्रदर्शनकारी मुख्यमंत्री आवास के बाहर लगे बैरिकेड तोड़कर अंदर दाखिल हो गए और नारेबाजी की। इस दौरान मुख्यमंत्री के खिलाफ अपशब्द कहे। इन लोगों ने पेंट का बॉक्स मुख्यमंत्री आवास के दरवाजे पर फेंका। इन लोगों ने सुरक्षा के लिए लगे एक बूम बैरियर को क्षतिग्रस्त कर दिया और वहां लगे सीसीटीवी कैमरे को भी नुकसान प