Since: 23-09-2009

  Latest News :
महंगाई के विरोध में राहुल गांधी साइकिल से पहुंचे संसद.   कर्नाटक में 38 बंदरों को जहर देकर मारा गया .   अगले 5 दिनों में भारी बारिश की संभावना.   पीएम मोदी दुनिया में ट्विटर पर सबसे लोकप्रिय नेता.   महाराष्ट्र में बाढ़ से अब तक 149 मरे, 64 लापता.   ऑपरेशन के दौरान 3 घंटे तक हनुमान चालीसा पढ़ती रही लड़की.   सीएम शिवराज ने ली बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की जानकारी .   सड़क निर्माण का कार्य पूरा नहीं होने से ग्रामीण नाराज.   केंद्रीय मंत्री के विवादित बयान से नाराज हुए सरपंच सचिव.   राहुल गाँधी पर एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का तंज.   बढ़ती महगाई के कृषि मंत्री ने गिनाये फायदे.   अरुण यादव टिकट और पद बेचने के लिए जाने जाते हैं.   किसानों का CM भूपेश बघेल के खिलाफ धरना प्रदर्शन.   नक्सलियों ने की पोस्टर लगाकर शहीद सप्ताह मनाने की अपील.   मंत्री कवासी लखमा के खिलाफ भाजयुमो का प्रदर्शन ,फूंका पुतला.   पेगासस मामले की छत्तीसगढ़ सरकार करेगी जांच.   मंत्री लखमा ने पुरंदेश्वरी को कहा फूलन देवी.   रायपुर में कोरोना की जांच का व्यापक अभियान शुरू.  

देश की खबरे

 Rahul Gandhi

संसद के बाहर और भीतर कांग्रेस महंगाई का करेगी विरोध   पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस और खाद्य वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सहित  कई अन्य विपक्षी नेता साइकिल से संसद पहुंचे  |  इस दौरान उन्होंने साइकिल पर वस्तुओं के बढे हुए दामों को दिखाया  |  आसमान छूती महंगाई को लेकर विपक्ष  के नेता विरोध में साइकिल से संसद पहुंचे  | कांस्टीट्यूशन क्लब में विपक्षी नेताओं के साथ  चर्चा के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी साइकिल चलाते हुए संसद पहुंचे  | उन्होंने साइकिल पर आगे की ओर एक तख्ती लगा रखी थी |  जिस पर रसोई गैस के सिलेंडर की तस्वीर थी   | और इसकी बढ़ी हुई कीमतें लिखी हुई थी  | बताया जा रहा है की विपक्षी नेताओं की बैठक में राहुल गांधी ने महंगाई के विरोध में संसद तक साइकिल मार्च का सुझाव दिया था |  कांग्रेस नेताओं का कहना है की  राहुल गाँधी और दूसरे विपक्षी नेताओं ने आम जनता की आवाज उठाई है  | लोग महंगाई से त्रस्त आ चुके हैं  | लेकिन सरकार किसी की भी नहीं सुन रही है  | कांग्रेस  संसद के भीतर और बाहर जनता की आवाज उठाते रहेंगे  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 August 2021

 death

HC ने अमानवीय तरीके से बंदरों की हत्या का मामला  लिया संज्ञान में    कर्नाटक हाईकोर्ट ने अमानवीय तरीके से बंदरों की हत्या के मामले में स्वतः संज्ञान लिया है। इस मामले पर स्वत: संज्ञान लेते हुए रजिस्ट्रार जनरल को जनहित याचिका दर्ज करने का आदेश दिया है। यह घटना कर्नाटक के हासन जिले की है, जहां चार दिन पहले 38 बंदरों को जहर देकर मार दिया गया था।यहां अज्ञात लोगों ने पहले बंदरों को जहर दिया  और फिर उन्हें बोरियों में भरकर पीट-पीटकर मार डाला । इन बंदरों के शव सड़क के किनारे पाए गए थे। इस मामले में 4 अगस्त को सुनवाई होगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 August 2021

 weather

दिल्ली में खतरे के निशान तक पहुंची यमुना     देश भर में मॉनसून का असर दिख रहा है और कई जगहों पर मॉनसून ने इतनी बारिश की है कि लोगों की जान आफत में पड़ गई है। इसके अभी थमने के आसार भी नहीं हैं, क्योंकि भारतीय मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों में देश के कई हिस्सों में भारी वर्षा होने की आशंका जताई है। वहीं, अगले पांच दिनों में जम्मू-कश्मीर और पंजाब में भी अधिकतर हिस्सों में मध्यम वर्षा हो सकती है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 July 2021

 Modi Followers

ट्विटर पर फॉलोअर्स की संख्या 70 मिलियन पहुंची   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्विटर पर 70 मिलियन फॉलोअर्स हो गए हैं |  ऐसे में पीएम मोदी सोशल मीडिया पर फॉलो किये जाने वाले नेताओं की लिस्ट में एक बार फिर से टॉप पर पहुंच गए हैं |   कांग्रेस और विपक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  को  कटने ही अपशब्द कहे या उन्हें घेरने की लाख कोशिश करे |  लेकिन उनकी लोकप्रियता में कोई कमी नजर नहीं आ रही है |  अब ट्विटर पर मोदी सबसे लोकप्रिय नेता हो गए हैं | ट्विटर पर 70 मिलियन फॉलोअर्स होने से साफ पता चलता है कि  पीएम मोदी की लोकप्रियता ट्विटर पर लगातार बढ़ती ही जा रही है |   हालांकि पीएम मोदी से पहले यह रिकॉर्ड अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के नाम था | अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के निजी अकाउंट को करीब  8 करोड़ 87 लाख लोग फॉलो कर रहे थे. उस वक्त दुनिया के सक्रिय नेताओं की लिस्ट में पीएम मोदी का नाम दूसरे नंबर पर थे |  उस वक्त पीएम मोदी   6 करोड़ 47 लाख फॉलोअर्स के साथ दूसरे नंबर पर थे |  अब पीएम मोदी के फॉलोअर्स बढ़कर 70 मिलियन यानी कि 7 करोड़ के पार हो गए है |  पीएम मोदी साल 2020 में भी अगस्त मीहने से लेकर अक्टूबर के बीच तक ट्विटर, यूट्यूब और गूगल सर्च के साथ ट्रेंडिंग चार्ट में टॉप पर रहे थे | उनकी बढ़ती लोकप्रियता यह इशारा करता है कि वह न सिर्फ भारत में बल्कि इंटरनेट की दुनिया में भी काफी लोकप्रिय हैं | कांग्रेस नेताओं में राहुल गांधी  के  ट्विटर पर 19.4 मिलियन फॉलोअर्स हैं |  वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के फॉलोअर्स की संख्या 6 मिलियन है |   फॉलोअर्स की संख्या की अगर बात करें तो दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के 22.8 मिलियन फॉलोअर्स हैं |  जबकि उत्तर  प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फॉलोअर्स की संख्या 14.5 मिलियन है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 July 2021

 weather

देश के कई  राज्यों में बारिश का अलर्ट   महाराष्ट्र में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है और भारी बारिश के बीच भूस्खलन की विभिन्न घटनाओं में मरने वालों की संख्या 149 तक पहुंच गई है। साथ ही 50 से ज्यादा लोग अभी तक घायल हो चुके हैं। भारतीय सेना, नौसेना, वायु सेना, तटरक्षक बल, एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें इन प्रभावित क्षेत्रों में तैनात हैं और पीड़ित लोगों को मदद पहुंचा रही है। महाराष्ट्र सरकार ने राहत कार्यों के लिए रायगढ़ और रत्नागिरी में से प्रत्येक के लिए 2 करोड़ रुपये और अन्य प्रभावित क्षेत्रों के लिए 50 लाख रुपए फिलहाल मंजूर किए हैं। बाढ़ प्रभावित इलाकों में कई स्थानों पर 20 फीट तक ऊंचे घरों तक बाढ़ का पानी पहुंच गया है। राज्य में 2.29 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 July 2021

 Hanuman Chalisa

 डॉक्टरों ने बेहोश किए बिना की सर्जरी     दिल्ली एम्स के डॉक्टरों ने एक महिला शिक्षक को बिना बेहोश किए उसके दिमाग का ऑपरेशन किया है।  इस ऑपरेशन की खास बात यह थी कि इस दौरान 24 साल की महिला शिक्षक 3 घंटे तक हनुमान चालीसा  का पाठ करती रही। इस महिला को ब्रेन ट्यूमर की समस्या होने के  कारण उसे ऑपरेशन कराना पड़ा। इस महिला के सिर में बाईं ओर ट्यूमर था।एम्स के डॉक्टर कई सालों से मरीजों के बिना बेहोश किए दिमाग का ऑपरेशन कर रहे हैं। इससे मरीज के दिमाग का कोई जरूरी हिस्सा खराब होने का खतरा कम हो जाता है। इसी वजह से इस सर्जरी के दौरान भी डॉक्टर लगातार लड़की से बात करते रहे और उससे हनुमान चालीसा भी सुना। अगर उसे बोलने में या फिर हाथ पैर हिलाने में कोई समस्या आती तो डॉक्टर इसे पकड़ लेते और ऑपरेशन में इसी हिसाब से बदलाव किया जाता। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 July 2021

 Sanjay Dwivedi

भारत में कोविड महामारी की 'पक्षपातपूर्ण' कवरेज भारत को लेकर पश्चिमी मीडिया की घटिया हरकत   कोरोना महामारी काल में भी भारत को लेकर  पश्चिमी मीडिया का दोहरा चरित्र सामने  आया है |  भारत की छवि नकारात्मक कैसे बने इसके लिए पश्चिमी मीडिया दिन रात लगा रहा  | .आईआईएमसी के सर्वे में इस बात का खुलासा हुआ |  सर्वेक्षण के दौरान एक रोचक तथ्य यह भी सामने आया कि लगभग 63 प्रतिशत लोगों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि खराब करने वाली पश्चिमी मीडिया की नकारात्मक खबरों को सोशल मीडिया पर फॉरवर्ड या साझा नहीं किया  | पश्चिमी मीडिया की नापाक हरकत का एक बार फिर खुलासा हुआ है |  भारतीय जन संचार संस्थान के सर्वेक्षण में   बयासी  फीसदी  मीडियाकर्मियों की राय  है कि  पश्चिमी मीडिया  की भारत में कोविड महामारी की कवरेज ‘पक्षपातपूर्ण’ रही |  उनहत्तर प्रतिशत  मीडियाकर्मियों का मानना है कि इस कवरेज से विश्व स्तर पर भारत की छवि धूमिल हुई है, जबकि  छप्पन फीसदी   लोगों का कहना है कि इस तरह की कवरेज से विदेशों में बसे प्रवासी भारतीयों की भारत के प्रति नकारात्मक राय बनी है  | आईआईएमसी के महानिदेशक प्रोफेसर  संजय द्विवेदी ने बताया कि संस्थान के आउटरीच विभाग द्वारा यह सर्वेक्षण जून 2021 में किया गया |   इस सर्वेक्षण में देशभर से कुल 529 पत्रकारों, मीडिया शिक्षकों और मीडिया स्कॉलर्स ने हिस्सा लिया  सर्वेक्षण में शामिल 60 प्रतिशत  मीडियाकर्मियों का मानना है कि पश्चिमी मीडिया द्वारा की गई कवरेज एक पूर्व निर्धारित एजेंडे के तहत अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि को खराब करने के लिए की गई |   अध्ययन के तहत जब भारत में कोविड महामारी के दौरान पश्चिमी मीडिया की कवरेज पर प्रतिक्रिया मांगी गई, तो 71 प्रतिशत  लोगों का मानना था कि पश्चिमी मीडिया की कवरेज में संतुलन का अभाव था  |  प्रो. द्विवेदी के अनुसार सर्वेक्षण में यह भी समझने की कोशिश की गई कि महामारी के दौरान पश्चिमी मीडिया में भारत के विरुद्ध यह नकारात्मक अभियान वास्तव में कब शुरू हुआ  | इसके जवाब में 38% लोगों ने कहा कि यह अभियान दूसरी लहर के दौरान उस समय शुरू हुआ, जब भारत महामारी से लड़ने में व्यस्त था  |   जबकि 25% मीडियाकर्मियों का मानना है कि यह पहली लहर के साथ ही शुरू हो गया था। वहीं 21% लोगों का मानना है कि भारत के खिलाफ नकारात्मक अभियान तब शुरू हुआ, जब भारत ने कोविड-19 रोधी वैक्सीन के परीक्षण की घोषणा की  | इस प्रश्न के उत्तर में 17% लोगों ने कहा कि यह नकारात्मकता तब शुरू हुई, जब भारत ने 'वैक्सीन डिप्लोमेसी' शुरू की  |  आईआईएमसी के सर्वेक्षण के दौरान एक रोचक तथ्य यह भी सामने आया कि लगभग 63 प्रतिशत लोगों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि खराब करने वाली पश्चिमी मीडिया की नकारात्मक खबरों को सोशल मीडिया पर फॉरवर्ड या साझा नहीं किया  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 July 2021

Lal Singh Arya

कांग्रेस दलित विरोधी पार्टी , पीएम मोदी ने किये कई कार्य   भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाल सिंह आर्य भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा तेलंगाना की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में पहुंचे  |  जहाँ उनका भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर स्वागत किया |  इस दौरान उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री मोदी ने गरीबों के हित  में कार्य किया है  | उन्होंने पीएम मोदी को दलित  हितैषी  और कांग्रेस को दलित विरोधी बताया  |  भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाल सिंह आर्य का तेलंगाना में भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में जमकर स्वागत किया  | इस दौरान  भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा  के राष्ट्रीय मंत्री एस कुमार, मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष  देवानंद सहित कई  लोग मौजूद रहे  | लाल सिंह आर्य ने बताया की वे इस समय कई राज्यों के दौरे पर हैं  | उन्होंने तेलंगाना की बैठक में भाग लिया और अब वे हैदराबाद पहुंचे |  इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा की | कांग्रेस दलित विरोधी पार्टी है | कांग्रेस के शासन काल में गरीबों के लिए योजना नहीं बनाई गई |  सिर्फ नारे लगाए गए |   उन्होंने कहा पीएम मोदी ने जिस दिन संसद की चौखट पर माथा टेका था  | और कहा था ये देश संविधान से चलेगा  | उसी दिन बाबा साहेब अम्बेडकर के सपनो को पूरा कर दिया गया था  |   नरेंद्र मोदी ने कभी गरीबों और दलितों के लिए नारे नहीं लगाए  | उन्होंने उनको उनका हक़ दिया | कई योजनाएं दलितों और गरीबों के लिए लेकर आये |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 July 2021

  new disease

टेक्सास में सामने आया मंकीपॉक्स का पहला केस   देश-दुनिया में कोरोना महामारी का खतरा अभी खत्म नहीं हुआ था की  कई देशों में कोरोना संक्रमण के नए केस तेजी से बढ़े हैं और इसे तीसरी लहर माना जा रहा है। इस बीच, अमेरिका से चिंता बढ़ाने वाली खबर सामने आई है। यहां नई बीमारी मंकीपॉक्स  का पहला केस मिला है।  मंकीपॉक्स का पहले केस टेक्सास में पाया गया है। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के मुताबिक, यह दुलर्भ बीमारी है जिस वायरस का यह पहला मामला है। बीमारी एक अमेरिकी निवासी में पाई गई, जिसने हाल ही में नाइजीरिया से अमेरिका की यात्रा की थी। मरीज को डलास में अस्पताल में भर्ती है। डलास काउंटी के स्वास्थ्य अधिकारी क्ले जेनकिंस के मुताबिक, यह बीमारी दुर्लभ जरूरी है, लेकिन हम अभी कोई बड़ा खतरा नहीं देख रहे हैं। हमें नहीं लगता कि अभी यह आम जनता के लिए कोई खतरा है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 July 2021

 Lightning

मंदिर के  झंडे को सिर्फ हुआ नुकसान   गुजरात की धार्मिक नगरी द्वारका में भगवान कृष्ण के मंदिर पर आसमानी बिजली गिरने से मंदिर के शिखर पर लगी ध्वजा को नुकसान पहुंचा है। हालांकि इसके अलावा किसी तरह का दूसरा नुकसान नहीं हुआ है। न तो किसी व्यक्ति को इस घटना में चोट आई  और न ही मंदिर परिसर में कोई बड़ा नुकसान हुआ है। देश में मानसून आ चुका है और देश के कई हिस्सों में जमकर बारिश हो रही है। इसी वजह से बिजली गिरने  की घटनाएं भी सामने आ रही हैं। पिछले कुछ दिनों में बिजली गिरने से देश में 40 लोगों की मौत हो चुकी है।। इससे पहले राजस्थान में बिजली गिरने से बड़ा हादसा हुआ था। बाद में बताया गया कि बारिश के दौरान बड़ी संख्या में पर्यटक पहाड़ में मौजूद थे और मोबइल नेटवर्क की वजह से बिजली गिरी थी। हालांकि द्वारका में ऐसा कुछ नहीं था और मंदिर के शिखर पर मौजूद ध्वज ने पूरी बिजली अवशोषित करके उसी जमीन में पहुंचा दिया। इसी वजह से वहां कोई नुकसान नहीं हुआ है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 July 2021

 Cloud burst in Himachal Pradesh

धर्मशाला के उफान पर नदियां    हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में तेज बारिश के कारण कई वाहन बह गए  और नदियां अचानक उफान पर आ गई । शुरुआती तौर पर इसे बादल फटने की घटना कहा जा रहा था । परन्तु मिली जानकारी के मुताबिक हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला क्षेत्र में मांझी नदी में पानी बहाव बहुत तेज हो गया  और यहां बादल फटने जैसी घटना का कारण 10 दुकानें बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुुकी है और शहर में अचानक तेज बहाव के कारण कई गाडियां बह गई है।स्थानीय सूत्रों के मुताबिक पर्यटन क्षेत्र भागसू में सोमवार सुबह बादल फटने के कारण अचानक बाढ़ जैसी स्थिति निर्मित हो गई। चंद पलों में एक छोटा सा नाला एक रौद्र नदी का रूप धारण कर लेता है और उसमें कई लग्जरी वाहन बह जाते हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 July 2021

 Jyotiraditya Scindia

इमरती के आंसू और भावुक सिंधिया की झप्पी   राजनीति में भी कई मर्तबा ऐसे भावुक क्षण आ जाते हैं जब भावनाओं पर कंट्रोल करना मुश्किल हो जाता है |  ऐसा ही उस समय हुआ जब पूर्व मंत्री इमरती देवी  केंद्रीय मंत्री बनाये जाने पर ज्योतिरादित्य सिंधिया को बधाई देने पहुँची  | अचानक इमरती देवी की आँख में आंसू  छलक आए  | तो सिंधिया  भावुक  हो गए और उन्होंने आगे बढ़कर इमरती देवी को गले लगाया और जादू की झप्पी दी  |  केंद्रीय मंत्री बनने के बाद ज्याेतिरादित्य सिंधिया के निवास और दफ्तर  पर  बधाई देने वालाें की भीड़ लगी हुई है |   ग्वालियर चंबल संभाग से भी सैकड़ाेंं समर्थक बधाई देने के लिए पहुंच रहे हैं | सिंधिया की कट्टर समर्थक मानी जाने वाली पूर्व मंत्री इमरती देवी भी सिंधिया काे बधाई देने दिल्ली पहुंची |  इमरती देवी ने  अंदर पहुंचते ही कहा-महाराज साहब बधाई हाे, सिंधिया ने बधाई स्वीकारने के साथ ही उनका हालचाल पूछा | इस दाैरान इमरती  देवी कुछ ज्यादा ही  भावुक हो गईं  ताे उनकी आंखाें से आंसू निकल आए |  सिंधिया ने कहा कि राे क्याें रही हाे ताे इमरती देवी ने कहा कि यह ताे खुशी के आंसू हैं, यह सुन सिंधिया भी भावुक हाे गए और आगे बढ़कर इमरती देवी काे गले लगा लिया |  सिंधिया की जादू की झप्पी का यह दृश्य इस इमोशनल कथा की एक बानगी भर है | केंद्रीय मंत्री ज्याेतिरादित्य सिंधिया ने जब कांग्रेस छाेड़कर भाजपा ज्वाइन की थी ताे उस समय उनके समर्थक मंत्रियाें सहित सैकड़ाे कार्यकर्ताओं ने भी इस्तीफे दिए थे |  इनमें पूर्व मंत्री इमरती देवी भी शामिल थीं |  इसके बाद इमरती देवी काे उपचुनाव में हार का सामना करना पड़ा |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 July 2021

 Zika Virus

क्या है लक्षण और बचाव के तरीके     कोरोना वायरस महामारी के बाद अब देश में जीका वायरस के संक्रमण का भी खतरा पैदा हो गया है। दक्षिण भारतीय राज्य के केरल में जीका वायरस का पहला मामला हाल ही में आया है | केरल के तिरुवनंतपुरम के पास प्रसाल्ला की रहने वाली एक 24 वर्षीय गर्भवती महिला में जीका वायरस से संक्रमण की पुष्टि की गयी है । पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) को जांच के लिए भेजे गए 19 सैंपल्स में से 13 लोगों में जीका वायरस संक्रमण मिला है। गौरतलब है कि जीका वायरस से संक्रमित महिला की हालत स्थिर है और फिलहाल निजी अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है।डॉक्टरों व हेल्थ विशेषज्ञों का मानना है कि जीका वायरस कोरोना वायरस के तरह ज्यादा जानलेवा नहीं है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 July 2021

 Jyotiraditya Scindia

ज्योतिरादित्य सिंधिया की पत्नी भी राजघराने से     मध्यप्रदेश की  सियासत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाला सिंधिया परिवार एक बार फिर चर्चा में है क्योंकि इस बार ज्योतिरादित्य सिंधिया को केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की पूरी संभावना हो सकती है। सिंधिया को केंद्र में मंत्री बनाने के साथ ही सिंधिया परिवार को लेकर भी लोगों में काफी उत्सुकता है और हर कोई सिंधिया परिवार के बारे में भी जानना चाहता है।  ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके परिवार  का संबंध ग्वालियर राजघराने से है। उनके पिता माधवराव सिंधिया कांग्रेस के दिग्गज नेता थे और केंद्र में मंत्री भी रह चुके थे। ज्योतिरादित्य सिंधिया के पिता माधवराव सिंधिया को छोड़कर उनका पूरा परिवार भाजपा में सक्रिय रहा है। खुद माधवराव सिंधिया ने अपने करियर की शुरुआत जनसंघ से की थी लेकिन बाद में कांग्रेस में शामिल हो गए थे। ज्योतिरादित्य की दादी राजमाता सिंधिया भाजपा की संस्थापक सदस्यों में से एक हैं। वहीं ज्योतिदित्य सिंधिया की एक बुआ वसुंधरा राजे सिंधिया राजस्थान की मुख्यमंत्री हैं और दूसरी बुआ यशोधरा राजे सिंधिया मध्यप्रदेश सरकार में पर्यटन, खेल औऱ युवा मामलों की मंत्री है।ज्योतिरादित्य ने 12 दिसंबर 1994 को राजकुमारी प्रियदर्शनी से शादी की। ज्योतिरादित्य की पत्नी प्रियदर्शनी का संबंध गुजरात के बडौदा स्थित गायकवाड़ मराठा राजघराने से है। प्रियदर्शिनी के पिता कुंवर संग्राम सिंह के तीसरे बेटे थे। प्रियदर्शनी की मां का संबंध भी नेपाल राजघराने से है। ज्योतिरादित्य और प्रियदर्शिनी की दो संतान है। एक बेटा महाआर्यमन सिंधिया और बेटी अनन्या राजे सिंधिया है। राजकुमारी प्रियदर्शिमी सिंधिया देश की सबसे खूबसूरत राजकुमारियों में शामिल हैं। 2012 में उन्हें देश की 50 सबसे खूबसूरत महिलाओं में शामिल किया गया था। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 July 2021

 Sonia Gandhi Amitabh Bachchan

   वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सांसद संतोष भारतीय की बुक 'वी.पी.सिंह चंद्रशेखर, सोनिया गांधी और मैं' में दावा  किताब में लिखा है कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के बाद सोनिया अपने बेटे की स्टडी को लेकर परेशान थी। राहुल उस समय लंदन में पढ़ाई कर रहे थे। सोनिया ने इस बारे में अमिताभ बच्चन को बताया था। गांधी  और बच्चन परिवार में बहुत करीबी रिश्ते थे। लेकिन किसी कारण रिश्तों में खटास आ गई। जिसको लेकर कई दावें किए जा चुके हैं। हाल ही में एक बड़ा खुलासा हुआ है।  कि राहुल गांधी की पढ़ाई के लिए सोनिया गांधी ने अमिताभ बच्चन से फीस का इंतजाम करने को कहा था। एक्टर ने इसमें आनाकानी की थी।लेखक के मुताबिक एक्टर ने पैसों का इंतजाम करने से मना कर दिया था। बच्चन ने कहा था कि ललित सूरी और सतीश शर्मा ने पैसों हेर फेर किया था | बुक में यह दावा भी  किया गया है कि जब राजीव गांधी जिंदा थे। तब ललित, सतीश और अमिताभ ने मिलकर राइस का बिजनेस शुरू किया था। संतोष भारतीय ने कहा कि अमिताभ बच्चन ने सोनिया को एक हजार डॉलर का चेक भिजवाया था, लेकिन उन्होंने वापस कर दिया था। पुस्तक में कहा गया है कि कांग्रेस अध्यक्ष इस घटना को भूल नहीं पाई। उन्होंने बच्चन को अपनी लाइफ से हमेशा से बाहर निकाल दिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 July 2021

  mysterious loud sound

शहरवासियों में दहशत का माहौल      दक्षिण बेंगलुरु में शुक्रवार दोपहर एक रहस्यमयी तेज आवाज सुनाई दी। जिससे शहरवासियों में दहशत का माहौल रहा। बेंगलुरू के कई हिस्सों में दोपहर करीब 12.30 बजे तेज आवाज सुनाई दी गयी थी । जिसके बाद कई रहवासियों ने ट्विटर पर शेयर किया कि उन्होंने जोर से गड़गड़ाहट की आवाज सुनी। यह ध्वनि सरजापुर क्षेक्र, जेपी नगर, बेन्सन टाउन, उल्सूर, इसरो लेआउट, एचएसआर लेआउट, दक्षिण बेंगलुरु और पूर्वी बेंगलुरु में सुनी गई। कुछ निवासियों ने बताया किया कि साउंड के प्रभाव के कारण उनकी खिड़कियां टूट गईं। इस घटना ने पिछले साल भारतीय वायुसेना के एक जेट के कारण हुए जबरदस्त ध्वनि की यादें ताजा कर दीं।  पिछले साल मई में आईएएफ जेट की तरह एक ओर सोनिक बूम था। जबकि कुछ ने इसे 'गरज के शोर' के रूप में वर्णित किया था, अन्य ने कहा था कि उन्हें झटके महसूस हुए, उनकी खिड़की के शीशे पांच सेकंड तक खड़खड़ाए। भारतीय वायु सेना ने बाद में खुलासा किया कि यह एक आईएएफ परीक्षण उड़ान थी। जिसमें एक सुपरसोनिक प्रोफाइल शामिल थी, जो बेंगलुरु हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी। हाई स्पीड वाली उड़ानों के कारण होने वाले साउंड इफेक्ट को सोनिक बूम के रूप में जाना जाता है

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 July 2021

 The girl was selling mangoes after leaving her studies

अमेया हेते ने 1.2 लाख रुपए देकर 12 आम खरीदे     झारखंड में जमशेदपुर की रहने वाली 11 वर्षीय तुलसी कुमारी को ऑनलाइन कक्षा के लिए स्मार्टफोन की जरूरत थी।  तुलसी ने बताया कि लॉकडाउन के कारण घर की स्थिति खराब थी। परिजनों के पास ऑनलाइन क्लास के लिए स्मार्टफोन दिलाने के पैसे नहीं थे। तुलसी ने कहा कि मैं एक मोबाइल खरीदना चाहती थी।  इस लिए हर दिन सुबह सड़क किनारे आम बेचती थी। आम बेचकर जो कुछ कमाते थे, वो राशन खरीदने में खर्च हो जाते। इस बीच अचानक उसकी किस्मत बदल गई। तुलसी के साथ ऐसा कुछ हुआ जो उसने सपने में भी सोचा नहीं था। दरअसल मुंबई के एक बिजनेसमैन अमेया हेते ने बच्ची से सवा लाख रुपए में आम खरीद लिए।वैलुएबल एडुटेमनेर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के प्रबंध निदेशक अमेया हेते तुलसी के पास आम खरीदने के लिए रुके थे। बातचीत में उन्हें पता चला कि बच्ची स्मार्टफोन नहीं होने के कारण पढ़ाई नहीं कर पा रही है। इस कारण रोजाना सड़क किनारे आम बेचने बैठती है। अमेया ने बच्ची को फोन देने का निर्णय लिया। वह 12 आम खरीद लिए। उन्होंने हर मैंगो की कीमत 10 हजार रुपए के हिसाब से 1.2 लाख रुपए दिए। वहीं पूरे साल का रिचार्ज करवा दिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 July 2021

 Tankha stepped down

कांग्रेस के भीतर कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है   कांग्रेस के भीतर कुछ भी ठीक ठाक नहीं चल रहा है  |  अब कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य विवेक तंखा ने कांग्रेस के लीगल सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ दिया है  | तंखा कांग्रेस के नाराज नेताओं के समूह जी-23 में शामिल रहे हैं  |  कांग्रेस पार्टी किसे राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया जाए इस जद्दोजहद में लगी है  | कांग्रेस के कुछ नेताओं का मत है कि कांग्रेस को अब गैर गाँधी राष्ट्रीय अध्यक्ष की जरुरत है  |  ऐसे में  कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य विवेक तंखा ने कांग्रेस के लीगल सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ दिया है | विवेक तन्खा ने   ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी  | तंखा कांग्रेस के नाराज नेताओं के समूह जी-23 में शामिल रहे हैं |  इसलिए उनके पद छोड़ने को गहरी राजनीति से जोड़कर देखा जा रहा है  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 June 2021

 Nirav Modi

भारत प्रत्यर्पण से रोकने वाली याचिका हुई खारिज     भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी को ब्रिटेन के अदालत से लगा बड़ा झटका , ऐसे में अब उनका भारत आने का रास्ता साफ हो गया है। ब्रिटेन की हाईकोर्ट ने  नीरव के उस आवेदन को खारिज कर दिया। जिसमें भारत प्रत्यर्पण को रोकने की अपील की गई थी। बता दें वेस्टमिंस्टर कोर्ट के डिस्ट्रिक्ट जज ने 25 फरवरी को प्रत्यर्पण को लेकर फैसला सुनाया था। इस फैसले को चुनौती देने के लिए मोदी ने अपील दायर की थी। जनवरी 2018 में पंजाब नेशन बैंक के लाइन ऑफ क्रेडिट के माध्यम से 14 हजार करोड़ रुपए के घोटाले का खुलासा हुआ था। जिसके बाद नीरव मोदी अपने परिवार के साथ विदेश भाग गया। सीबीआई और ईडी ने जांच में मोदी और उसके मामा मेहुल चौकसी के खिलाफ रेडकॉर्नर नोटिस जारी किया था। दिसंबर 2018 में नीरव के भेष बदलकर लंदन में रहने की पुष्टि हुई थी। एंटीगुआ के साथ भारत की प्रत्यर्पण संधि नहीं है। सरकार उसके प्रत्यर्पण के लिए कूटनीतिक प्रयत्न में लगी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 June 2021

  social media

बच्चों को बचाने के लिए अजगर से भिड़ गया तेंदुआ  वीडियो देख लोगों ने कहा- मां महान होती है    इन दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो को देखकर लोग फिर से कह रहे हैं कि मां महान होती है। मां के प्यार से ऊपर कुछ भी नहीं।चाहे वो इंसान हो, जानवर हो या पक्षी हो। हर मां को अपने बच्चों से बहुत प्यार होता है। मां अपने बच्चों को बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है।दरअसल यह वायरल वीडियो एक तेंदुआ और अजगर के बीच हुई लड़ाई का है। इस वीडियो में अजगर से अपने बच्चों को बचाने के लिए एक मादा तेंदुआ उससे भिड़ जाती है।वायरल वीडियो में साफ दिख रहा है कि पहले एक मादा तेंदुआ अपने बच्चों के साथ जंगल में घूम रही है। तभी वहां पर एक अजगर आ जाता है। अजगर को देख तेंदुए के बच्चे डर कर भाग जाते हैं। अपने बच्चों की जान बचाने के लिए मादा तेंदुआ अजगर के सामने आ जाती है और अजगर को डराने की कोशिश करती है। बच्चों की खातिर मां बिना डरे अजगर का सामना करती है। ताकि वो उसके बच्चों को कोई नुकसान ना पहुंचा सके।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 June 2021

  social media

बच्चों को बचाने के लिए अजगर से भिड़ गया तेंदुआ  वीडियो देख लोगों ने कहा- मां महान होती है    इन दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो को देखकर लोग फिर से कह रहे हैं कि मां महान होती है। मां के प्यार से ऊपर कुछ भी नहीं।चाहे वो इंसान हो, जानवर हो या पक्षी हो। हर मां को अपने बच्चों से बहुत प्यार होता है। मां अपने बच्चों को बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है।दरअसल यह वायरल वीडियो एक तेंदुआ और अजगर के बीच हुई लड़ाई का है। इस वीडियो में अजगर से अपने बच्चों को बचाने के लिए एक मादा तेंदुआ उससे भिड़ जाती है।वायरल वीडियो में साफ दिख रहा है कि पहले एक मादा तेंदुआ अपने बच्चों के साथ जंगल में घूम रही है। तभी वहां पर एक अजगर आ जाता है। अजगर को देख तेंदुए के बच्चे डर कर भाग जाते हैं। अपने बच्चों की जान बचाने के लिए मादा तेंदुआ अजगर के सामने आ जाती है और अजगर को डराने की कोशिश करती है। बच्चों की खातिर मां बिना डरे अजगर का सामना करती है। ताकि वो उसके बच्चों को कोई नुकसान ना पहुंचा सके।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 June 2021

 Kamal Nath

कमलनाथ :हम मध्यप्रदेश की जनता की लड़ाई लड़ते रहेंगे   मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पूरी तरह स्वस्थ्य होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो गए हैं  | इस दौरान उन्होंने  कहा की  ईश्वर के आशीर्वाद और आप सभी की दुआओं  से अब मैं पूरी तरह से स्वस्थ हूँ. | हम जनता की लड़ाई मिलकर लड़ते रहेंगे | . पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ पूरी  स्वस्थ्य हो चुके हैं  | कुछ दिनों पूर्व उन्हें सीने में दर्द और बुखार के चलते गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती किया गया था  | जहाँ उनकी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई थी  |  उनके बेटे नकुल नाथ ने इसे रोटीन  चेकअप बताया था |  स्वस्थ्य होने के बाद कमलनाथ ने  सभी का आभार व्यक्त किया | और कहा की   आज अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर आ गया हूँ | आप सभी की शुभकामनाओं के लिए धन्यवाद | हम सभी मप्र की जनता की लड़ाई लड़ते रहेंगे |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 June 2021

  Akshay Kumar

इससे करणी सेना ने भी जाहिर की  आपत्ति   बाॅलीवुड सुपर स्टार अक्षय कुमार की आगामी फिल्म ‘पृथ्वीराज’ को लेकर जहां फिल्म मेकर्स और फैंस में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है तो वहीं यह फिल्म विवाद को लेकर लगातार सुर्खियों में है। अक्षय कुमार की ‘पृथ्वीराज’ फिल्म के विवाद में सबसे पहले करणी सेना का नाम आया था जिसने इस फिल्म के नाम को लेकर विवाद किया था। सेना के युवा शाखा के अध्यक्ष सुरजीत सिंह ने कहा था कि ‘‘वो फिल्म का नाम केवल ‘पृथ्वीराज‘ कैसे रख सकते हैं? जबकि फिल्म महान पृथ्वीराज चौहान की जिन्दगी पर आधारित है। हम चाहते हैं कि इस फिल्म का नाम बदलकर उनके पूरे नाम पर रखा जाए और उन्हें सम्मान दिया जाए’’। करणी सेना का यह विवाद अभी थमा भी नहीं था कि अब चंडीगढ़ में फिल्म के विवाद को लेकर तेजी से प्रदर्शन किया जा रहा है।ये फिल्मी विवाद इतना ज्यादा बढ़ गया है कि अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने चंडीगढ़ के सेक्टर-45 में प्रदर्शन कर अक्षय कुमार और निर्देशक चंद्रप्रकाश का पुतला फूंक दिया। इस दौरान संगठन ने यह भी कहा कि रिलीज से पहले उन्हें फिल्म दिखाई जाए। अगर निर्माता-निर्देशक ऐसा करने से मना करते हैं तो उन्हें ‘पद्मावत’ और ‘जोधा अकबर’ जैसा विरोध का सामना करना पड़ेगा।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 June 2021

 Shivraj Modi

कई अहम मुद्दों पर हुई मोदी -शिवराज की चर्चा   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  और सीएम शिवराज सिंह चौहान  के बीच कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हुई  | सीएम शिवराज ने प्रधानमंत्री को मध्य प्रदेश में कोरोना की स्थिति से अवगत करवाया  | उन्होंने मध्य प्रदेश में तीसरी लहर से निपटने से चल रहे उपायों पर चर्चा की | सीएम ने कहा कि दिसंबर तक हम मध्य प्रदेश की 70 प्रतिशत आबादी को हम पूरे टीके लगवा दें, यहीं हमारा लक्ष्य है | .शिवराज सिंह  ने मोदी को बताया कि मध्यप्रदेश में 21 जून से वैक्सीनेशन महाअभियान की शुरुआत की जाएगी  |  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात की  | मुलाकात से पहले सीएम शिवराज ने सुबह ट्वीट कर लिखा कि मेक इन इंडिया और मेक फार वर्ल्ड के मूलमंत्र के साथ केंद्र सरकार भारत को एक आत्मनिर्भर अर्थव्यवस्था में बदल रही है | आत्म निर्भर भारत अभियान केवल एक सरकारी नीति नहीं, बल्कि आत्मनिर्भरता की दिशा में एक राष्ट्रीय आंदोलन है  | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में केंद्र सरकार द्वारा बिजली कनेक्शन, बैंक ऋण प्रदान करने और सड़कों के जाल बिछाने जैसे अनेक प्रयास किये जा रहे हैं  |  जिनके माध्यम से आर्थिक विकास समाज के सबसे गरीब और सबसे कमजोर वर्गों तक पहुंच रहा है  | मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश के विकास और जनता के कल्याण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  का स्नेहपूर्ण मार्गदर्शन सदैव मिला है |  प्रधानमंत्री   नरेंद्र मोदी   मैन आफ आइडियाज है  | उन्होंने कहा राज्य के विकास के अनेक मुद्दे,  जनकल्याण के मुद्दे, कोरोना कंट्रोल करना,  वैक्सीनेशन अभियान सहित अनेक विषयों पर प्रधनमंत्री से चर्चा हुई है |  मध्यप्रदेश में 21 जून से वैक्सीनेशन महाअभियान की शुरुआत की जाएगी |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 June 2021

 newborn baby

खोला तो जन्म कुंडली के साथ चुनरी में लिपटी नवजात मिली   उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में मंगलवार को गंगा में तैरता  हुआ लकड़ी का बॉक्स दिखाई दिया। नदी किनारे रह रहे एक नाविक ने जब बॉक्स खोलकर देखा, तो उसमें एक नवजात बच्ची मिली। बॉक्स में मां दुर्गा की फोटो के साथ कई देवी-देवताओं के फोटो लगे थे। इसमें एक जन्म कुंडली भी मिली है।  जन्म कुंडली मे बच्ची का नाम गंगा लिखा था। उसका जन्म 25 मई को हुआ है। यानी उसकी उम्र महज तीन हफ्ते है। मासूम को नाविक अपने घर ले गया। उसके परिजन बच्ची को पालना चाहते थे, लेकिन स्थानीय लोगों ने मामले की सूचना पुलिस को दे दी।बच्ची को पुलिस आशा ज्योति केंद्र ले गई है। बच्ची पूरी तरह स्वस्थ बताई जा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 June 2021

 Paytm LPG Cylinder Booking Cashback

दिल्ली में 800 रुपए का गैस सिलेंडर पाएं सिर्फ 10 रुपए में  30 जून से पहले  करें बुकिंग      महंगे गैस सिलेंडर को खरीदने से आप बचना चाहते हैं तो पेमेंट ऐप Paytm ग्राहकों को लिए एक शानदार ऑफर लेकर आया है। यदि ग्राहक जून 2021 से पहले अपना एलपीजी  सिलेंडर  पेटीएम ऐप के जरिए बुक कराते हैं तो 800 रुपए तक का कैशबैक मिल सकता  हैं.। पेटीएम की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक भारत गैस , एचपी गैस और इंडेन  के ग्राहको को  इस सुविधा का फायदा मिल सकता  हैं।दिल्ली में जून 2021 में 14.2 किलोग्राम वाले रसोई गैस सिलिंडर की कीमत फिलहाल 809 रुपए है और Paytm से घरेलू LPG सिलिंडर बुक कराने पर 800 रुपए तक का कैशबैक मिल सकता है। Paytm एलपीजी सिलिंडर बुकिंग कैशबैक ऑफर  का लाभ पाने के लिए प्रोमो सेक्शन में प्रोमो कोड FIRSTLPG दर्ज करना होता है।गौरतलब है कि Paytm के इस ऑफर का फायदा ग्राहकों को सिर्फ एक बार ही मिलेगा। इस ऑफर का फायदा उठाने के लिए सबसे पहले Recharge & Pay Bills के ऑप्शन पर जाना होगा, यहां Book a cylinder पर टैप करें और गैस सिलिंडर का ब्योरा भरें। गैस सिलेंडर का ऑनलाइन पेमेंट करने से पहले FIRSTLPG प्रोमो कोड होगा। एलपीजी डिलीवरी के लिए पेटीएम ने भारत पेट्रोलियम, इंडियन ऑयल और हिंदुस्तान पेट्रोलियम के साथ करार किया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 June 2021

 ACCIDENT

 100 साल पुराने कुएं पर स्लैब डाली गई थी   मुंबई में सड़क किनारे खड़ी एक कार जमीन के अंदर समाई , जहां  कार को  पार्क किया गया था , वह हिस्सा टूट कर जमीन में धंस गया। इस घटना का एक वीडियो सामने आया है। जिसमें एक  कार धीरे-धीरे जमीन में समाते नजर आ रही है। इसकी खबर मिलते ही फायर ब्रिगेड डिपार्टमेंट और BMC के कर्मचारी मौके पर पहुंच गए। कार धंसने वाली जगह पानी भरा होने के कारण उसे बाहर निकालने में दिक्कत आई। ट्रैफिक डिपार्टमेंट के मुताबिक, यह कार घाटकोपर इलाके में रहने वाले डॉ. पी दोषी की है। उन्होंने बताया कि घटना रविवार सुबह 8.30 बजे की है। कंपाउंड में काम करने वाले एक लड़के ने बताया कि उनकी कार कुछ तिरछी हो गई है। हम बालकनी में पहुंचे , हमारी आंखों के सामने पूरी कार गड्‌ढे में समा गई।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 June 2021

  Corona Mata Temple

भक्तों को भरोसा- माता दूर भगाएगी महामारी    उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़  कोरोना माता का मंदिर बना दिया गया जिसमें  लोग यहां पूजा कर रहे हैं और उनका मानना है कि कोरोना माता उन्हें इस महामारी से छुटकारा दिलाएंगी। प्रतापगढ़ जिले के एक गांव में नीम के पेड़ के नीचे ग्रामीणों ने मिलकर यह मंदिर बनाया है। एक रहवासी ने बताया, गांव वालों ने मिलकर इस मंदिर की स्थापना की है। सभी यहां पूजा करते हैं। माता की जो मूर्ति स्थापित की गई है, उसने मास्क पहना है | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 June 2021

  most wanted

एक घंटे तक चला शूटआउट   पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से सटे न्यूटाउन में STF और अपराधियों  के बीच शूटआउट में पंजाब के दो मोस्ट वांटेड अपराधी हुए ढेर । गुप्त सूचना के आधार पर राज्य पुलिस की STF टीम सापूरजी इलाके में छापेमारी के लिए पहुंची थी। उसी दौरान एक आवास में तलाशी के दौरान ये दोनों बदमाश मिले। पुलिस ने जब इन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश की, तो इन्होंने फायरिंग शुरु कर दी। इस पर STF की जवाबी फायरिंग शुरु कर दी। करीब एक घंटे तक चले शूटआउट में दोनों बदमाश मारे गये। इस दौरान एक इंस्पेक्टर को भी गोली लगी। उसे साल्टलेक के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 June 2021

  most wanted

एक घंटे तक चला शूटआउट   पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से सटे न्यूटाउन में STF और अपराधियों  के बीच शूटआउट में पंजाब के दो मोस्ट वांटेड अपराधी हुए ढेर । गुप्त सूचना के आधार पर राज्य पुलिस की STF टीम सापूरजी इलाके में छापेमारी के लिए पहुंची थी। उसी दौरान एक आवास में तलाशी के दौरान ये दोनों बदमाश मिले। पुलिस ने जब इन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश की, तो इन्होंने फायरिंग शुरु कर दी। इस पर STF की जवाबी फायरिंग शुरु कर दी। करीब एक घंटे तक चले शूटआउट में दोनों बदमाश मारे गये। इस दौरान एक इंस्पेक्टर को भी गोली लगी। उसे साल्टलेक के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 June 2021

 kamalnath

गुडगांव के मेदांता अस्पताल में हुए भर्ती   मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की अचानक तबियत खराब हो गई है  | उन्हें  गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल ले  में भर्ती किया गया है  | उन्हें सर्दी-जुकाम और बुखार के साथ सीने में दर्द  की शिकायत  बताई गई है  |  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को तबीयत बिगड़ने पर बुधवार को गुरुग्राम के  मेदांता अस्पताल ले जाया गया  |   कांग्रेस  सूत्रों ने बताया की  वरिष्ठ  नेता कमलनाथ को सीने में दर्द  | सर्दी जुकाम और बुखार की शिकायत  है |  एक दिन पहले ही कमलनाथ का  छिंदवाड़ा का दौरा भी टालना पड़ा था | अचानक व्यस्तताएं बताकर उसे भी एक दिन पहले टाल दिया गया था |   इसे स्वास्थ्य कारणों से ही जोड़कर देखा जा रहा है|  कमलनाथ पिछले एक सप्ताह से   दिल्ली में ही थे  |  हालाँकि मध्यप्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि कमलनाथ रूटीन चैकअप के लिए अस्पताल गए हैं | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 June 2021

सिर्फ 5 मिनट में 7 मरीजों की मौत, 22 की अफवाह     उत्तरप्रदेश के आगरा जिले में एक अस्पताल में तथा कथित मॉक ड्रिल के दौरान बड़ी लापरवाही सामने आई जिसमें  एक निजी अस्पताल में ऑक्सीजन मॉक ड्रिल के दौरान सिर्फ 5 मिनट में भी 22 मरीजों की मौत का मामला सामने आया । अब सोशल मीडिया पर भी इस घटना का वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में अस्पताल के मालिक बता रहे हैं कि 26 अप्रैल को ऑक्सीजन की कमी के कारण 5 मिनट के लिए ऑक्सीजन की सप्लाई को रोका गया था, ऐसे में यह पता लगाने की कोशिश की जा रही थी कि क्या गंभीर मरीज जरूरत पड़ने पर बिना ऑक्सीजन के भी जीवित रह सकते हैं।इधर आगरा के जिलाधिकारी ने आगरा के डीएम ने ऑक्सीजन की कमी से 22 मरीजों की मौत को सिरे से गलत बताया है। डीएम ने कहा कि 26 और 27 अप्रैल को ऑक्सीजन की कथित कमी के चलते 7 मरीजों की निजी अस्पताल में मौत हो गई। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 June 2021

 VIDEO VIRUL

बेहते आंसुओं के साथ दी महावत को अंतिम विदाई     हाथियों को इंसान का अच्छा दोस्त माना जाता है। क्योंकी इंसानों की तरह हाथी भी काफी भावुक होते हैं  हाल ही में एक ऐसा ही वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है, जिसमें देखा जा सकता है कि महावत की मौत के बाद हाथी अंतिम विदाई देने आता है और अपनी सूंड को उठाकर बार-बार अंतिम विदाई देता है। इस इमोशनल वीडियो को देखकर भी कई लोग भावुक हो जाते हैं।वीडियो में देखा जा सकता है कि महावत की मौत के बाद उसके परिजन, पड़ोसी और अन्य रिश्तेदार अंतिम संस्कार की तैयारी कर रहे हैं और अंत में महावत के शव के पास उसके हाथी को भी लाया जाता है और उसे महावत की लाश के करीब लाकर खड़ा किया जाता है। इस दौरान हाथी की आंखों से आंसू निकलते रहते है और हाथी भी कुछ देर शांत खड़े रहने के बाद बार-बार अपनी सूंड को उठाकर अंतिम प्रणाम करता है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 June 2021

Big threat from China again

पहली बार इंसान में मिला H10N3 वायरस का स्ट्रैन   कोरोना महामारी का खतरा अभी खत्म भी नहीं हुआ है कि पूरी दुनिया के सामने चीन एक बार फिर नई मुसीबत खड़ी कर सकता है  | दुनिया के अधिकतर देश जहां कोरोना महामारी फैलने के मामले में चीन को दोष मानते  हैं, उसी चीन में   पहली बार इंसान में बर्ड फ्लू का वायरस मिला है |  चीन में 41 वर्षीय शख्स में बर्ड फ्लू का H10 N3 स्ट्रेन पाया गया है |  हाल ही में चीन के नेशनल हेल्थ कमिशन ने इस बारे में पुष्टि भी कर दी है औ बताया गया है कि बर्ड फ्लू के H10N3 स्ट्रेन से संक्रमित यह व्यक्ति चीन के झेनजियांग का रहने वाला है  |  दुनिया को कोरोना महामारी देने वाला चीन  | एक बार फिर खतरे का सबब बन गया है |  पहली बार इंसान में बर्ड फ्लू का वायरस मिला है |  इस बार वहां एक इंसान में  H10 N3 वायरस पाया गया है | चीन के नेशनल हेल्थ कमिशन ने अपनी रिपोर्ट में   बताया है कि बुखार और अन्य लक्षण दिखने के बाद इस बीमार व्यक्ति को बीती 28 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और करीब एक माह बाद 28 मई को इस शख्स के शरीर में H10 N3 स्ट्रेन पाए जाने की पुष्टि हुई  |  चीन के नेशनल हेल्थ कमिशन ने हालांकि इस बारे कोई जानकारी नहीं दी है कि आखिर ये व्यक्ति कैसे संक्रमित हुआ है  | एनएचसी ने बताया है कि बर्ड फ्लू का H10  N3 स्ट्रेन उतना शक्तिशाली नहीं है, लेकिन इससे खतरा भी कम नहीं है  |एनएचसी का कहना है कि H10N3 स्ट्रेन के बड़े स्तर पर फैलने की आशंका भी बहुत कम है  |  फिलहाल पीड़ित शख्स की स्थिति स्थिर है और स्वास्थ्य में सुधार भी हो रहा है और जल्द ही उसे अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी|  उस व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों में किसी भी व्यक्ति की तबियत खराब नहीं हुई है  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 June 2021

Big threat from China again

पहली बार इंसान में मिला H10N3 वायरस का स्ट्रैन   कोरोना महामारी का खतरा अभी खत्म भी नहीं हुआ है कि पूरी दुनिया के सामने चीन एक बार फिर नई मुसीबत खड़ी कर सकता है  | दुनिया के अधिकतर देश जहां कोरोना महामारी फैलने के मामले में चीन को दोष मानते  हैं, उसी चीन में   पहली बार इंसान में बर्ड फ्लू का वायरस मिला है |  चीन में 41 वर्षीय शख्स में बर्ड फ्लू का H10 N3 स्ट्रेन पाया गया है |  हाल ही में चीन के नेशनल हेल्थ कमिशन ने इस बारे में पुष्टि भी कर दी है औ बताया गया है कि बर्ड फ्लू के H10N3 स्ट्रेन से संक्रमित यह व्यक्ति चीन के झेनजियांग का रहने वाला है  |  दुनिया को कोरोना महामारी देने वाला चीन  | एक बार फिर खतरे का सबब बन गया है |  पहली बार इंसान में बर्ड फ्लू का वायरस मिला है |  इस बार वहां एक इंसान में  H10 N3 वायरस पाया गया है | चीन के नेशनल हेल्थ कमिशन ने अपनी रिपोर्ट में   बताया है कि बुखार और अन्य लक्षण दिखने के बाद इस बीमार व्यक्ति को बीती 28 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और करीब एक माह बाद 28 मई को इस शख्स के शरीर में H10 N3 स्ट्रेन पाए जाने की पुष्टि हुई  |  चीन के नेशनल हेल्थ कमिशन ने हालांकि इस बारे कोई जानकारी नहीं दी है कि आखिर ये व्यक्ति कैसे संक्रमित हुआ है  | एनएचसी ने बताया है कि बर्ड फ्लू का H10  N3 स्ट्रेन उतना शक्तिशाली नहीं है, लेकिन इससे खतरा भी कम नहीं है  |एनएचसी का कहना है कि H10N3 स्ट्रेन के बड़े स्तर पर फैलने की आशंका भी बहुत कम है  |  फिलहाल पीड़ित शख्स की स्थिति स्थिर है और स्वास्थ्य में सुधार भी हो रहा है और जल्द ही उसे अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी|  उस व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों में किसी भी व्यक्ति की तबियत खराब नहीं हुई है  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 June 2021

 Narendra Singh modi

3 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगी ममता बनर्जी   चक्रवाती तूफान यास से बंगाल में हुए नुकसान का आकलन करने को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से शुक्रवार को कोलकाता में बुलाई गई बैठक का विवाद गहराता जा रहा है। सबसे पहले तो पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव और ममता बनर्जी के खास माने जाने वाले अलापन बंद्दोपाध्याय बैठक में 30 मिनट देरी से पहुंचे। वहीं ममता बनर्जी भी राहत पैकेज के लिए ही पीएम से मिलीं। इसके बाद जहां केंद्र सरकार ने अलापन पर कार्रवाई की है, वहीं ममता के बर्ताव के लिए केंद्रीय मंत्रियों व भाजपा नेताओं ने उनकी कड़ी आलोचना की है। पूरे देश में ममता बनर्जी की किरकिरी हो रही है।  लेकिन 24 मई को ही ममता सरकार ने तीन महीने के लिए उनका कार्यकाल बढ़ा दिया था। उन्हें 31 मई की सुबह 10 बजे से पहले रिपोर्ट करना है। केंद्र सरकार ने बंगाल सरकार से उन्हें जल्द से जल्द रिलीव करने का अनुरोध किया है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को ही अलापन को सीधा  विकास प्राधिकरण के प्रमुख की जिम्मेदारी सौंपी थी।जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बंगाल की जनता के साथ इतनी मजबूती से खड़े हैं तो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी जनता की भलाई के लिए अपने अभिमान को दूर रखना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुलाई गई बैठक में उनकी गैरमौजूदगी संवैधानिक नैतिक मूल्य व संघीय ढांचे में सहयोग की भावना की हत्या है। ममता की ओछी राजनीति बंगाल की जनता को फिर से भयभीत करने लगी है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 May 2021

 Unlock

लेकिन इस राज्य में 7 जून तक लॉकडाउन   देश में कोरोना की दूसरी लहर पर काबू मिलता दिख रहा है। यही कारण है कि लॉकडाउन का सामना कर रहे राज्यों ने अब अनलॉक यानी नियमों में ढील देने की कवायद शुरू कर दी है। हालांकि कर्नाटक में लॉकडाउन 7 जून तक बढ़ा दिया गया है। अभी देश में सबसे ज्यादा दैनिक मामले कर्नाटक में आ रहे हैं।  जहां लोगों को कर्फ्यू से राहत मिल सकती है उनमें महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश शामिल हो सकते हैं। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे 1 जून से राहत के संकेत दे चुके हैं, वहीं मध्य प्रदेश से भी ऐसी ही चर्चा है।इंदौर कलेक्टर ने दिए संकेत  कि 1  जून से शहर को जनता कर्फ्यू से मुक्ति मिल जाएगाी। इस दौरान शहर में माइक्रो कंटेन्मेंट झोन बढ़ाएंगे जाएंगे।  ऐसे क्षेत्र जहां संक्रमण अधिक होगा, उस क्षेत्र को कंटेन्मेंट कर बंद किया जाएगा। पहले चरण में सब्जी किराना के बाद थोक व्यापार व निर्माण गतिविधियों को छूट मिलेगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 May 2021

 Narendra Singh modi

 कोरोना काल में किसानों को राहत    पीएम मोदी ने 9.5 करोड़ से ज्यादा लाभार्थी किसान परिवारों को 19 हजार करोड़ रुपये से अधिक ट्रांसफर किए। वहीं कोरोना काल में पीएम मोदी ने किसानों को एक और सौगात दी। जिसमें  पीएम मोदी ने कहा, सरकार ने निर्णय लिया है कि कोरोना काल को देखते हुए किसान क्रेडिट कार्ड ऋण के भुगतान या नवीनीकरण की समय सीमा को बढ़ा दिया गया है। जिन किसानों का ऋण बकाया है, वो अब 30 जून तक ऋण का नवीनीकरण कर सकते हैं। पीएम मोदी ने इस मौके पर कहा, सरकार की ये निरंतर कोशिश है कि छोटे और सीमांत किसानों को बैंकों से सस्ता और आसान ऋण मिले। इसके लिए बीते डेढ़ साल से किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध करने का अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान 2 करोड़ से ज्यादा किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए गए हैं। किसान सम्मान निधि इस योजना के तहत अब तक देश के लगभग 11 करोड़ किसानों के पास करीब 1 लाख 35 हजार करोड़ रूपये पहुंच चुके हैं। इनमें से सिर्फ कोरोना काल में ही 60 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा पहुंचे हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 May 2021

 Narendra Singh modi

 कोरोना काल में किसानों को राहत    पीएम मोदी ने 9.5 करोड़ से ज्यादा लाभार्थी किसान परिवारों को 19 हजार करोड़ रुपये से अधिक ट्रांसफर किए। वहीं कोरोना काल में पीएम मोदी ने किसानों को एक और सौगात दी। जिसमें  पीएम मोदी ने कहा, सरकार ने निर्णय लिया है कि कोरोना काल को देखते हुए किसान क्रेडिट कार्ड ऋण के भुगतान या नवीनीकरण की समय सीमा को बढ़ा दिया गया है। जिन किसानों का ऋण बकाया है, वो अब 30 जून तक ऋण का नवीनीकरण कर सकते हैं। पीएम मोदी ने इस मौके पर कहा, सरकार की ये निरंतर कोशिश है कि छोटे और सीमांत किसानों को बैंकों से सस्ता और आसान ऋण मिले। इसके लिए बीते डेढ़ साल से किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध करने का अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान 2 करोड़ से ज्यादा किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए गए हैं। किसान सम्मान निधि इस योजना के तहत अब तक देश के लगभग 11 करोड़ किसानों के पास करीब 1 लाख 35 हजार करोड़ रूपये पहुंच चुके हैं। इनमें से सिर्फ कोरोना काल में ही 60 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा पहुंचे हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 May 2021

  High Court

  इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक अहम मामले में सुुनवाई करते हुए निर्देश दिए  कि यूपी पंचायत चुनाव में कोरोना की वजह से जान गंवाने वाले मतदान अधिकारियों को कम से कम एक करोड़ रुपये का मुआवजा मिलना अनिवार्य होना चाहिए। हाईकोर्ट की एकल पीठ ने उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के प्रसार को लेकर दायर एक जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान ये निर्देश दिये है । हाईकोर्ट ने ये भी कहा कि चुनाव आयोग, सरकार और अदालतें भी कोरोना महामारी के बीच पंचायत चुनाव कराने के विनाशकारी परिणामों को  समझने में नाकाम रही।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 May 2021

 Video viral

हाथियों ने उजाड़ दिए 300 से ज्यादा पेड़    सोशल मीडिया में इन दिनों हाथियों के झुंड का एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में हाथी 300 से ज्यादा पेड़ उजाड़ दिए , पर एक पेड़ छोड़ देते हैं, जिसमें चिड़िया का घोंसला होता है। यह वीडियो तमिलनाडु का है। वीडियो देखने के बाद लोगों का कहना है कि हाथियों में इंसानों से ज्यादा मानवता बची हुई है। वायरल वीडियो इरोड जिले के सत्यमंगला कस्बे का है।  इन हाथियों ने केले का पूरा बगीचा तबाह कर दिया, पर एक पेड़ को छोड़ दिया। इसमें एक चिड़िया का घोसला था। इस घोसले में चिड़िया के अलावा उसके 4-5 बच्चे भी थे।सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद लोग हाथियों की जमकर तारीफ कर रहे हैं। कुछ लोग उन्हें इंसानों से बेहतर बता रहे हैं तो कुछ लोग उनकी तुलना फिल्मों से कर रहे हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 May 2021

 Mamata Banerjee

भाजपा ने समारोह का किया बहिष्कार    टीएमसी नेता ममता बनर्जी को पश्चिम बंगाल की 17वीं विधानसभा का नेता चुने जाने के बाद अब से कुछ देर बाद मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण करेंगी। आज सिर्फ ममता बनर्जी शपथ ग्रहण करेंगी, वहीं नव-निर्वाचित सदस्य 6 मई को विधानसभा में शपथ लेंगे। कोविड महामारी के चलते शपथ ग्रहण समारोह बेहद सादगी भरे माहौल में आयोजित किया गया है और इसमें सिर्फ 50 लोगों को आमंत्रित किया गया गया है। शपथ ग्रहण में पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य, निवर्तमान सदन के नेता प्रतिपक्ष अब्दुल मन्नान और सीपीएम के वरिष्ठ नेता बिमान बोस को कार्यक्रम भी बुलाया गया है। वहीं दूसरी ओर बंगाल में भड़की हिंसा के विरोध में भाजपा ने शपथ ग्रहण समारोह का विरोध किया है।बंगाल में भड़की हिंसा के विरोध में भाजपा आज सांकेतिक धरना प्रदर्शन भी कर रही है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 May 2021

 Narendra Singh modi

  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिखों के नौवें गुरु, गुरु तेग बहादुर  के 400वीं जयंती को मनाने के लिए गठित उच्चस्तरीय समिति की बैठक की अध्यक्षता की इस बैठक की अध्यक्षता वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई इस बैठक में पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी मौजूद थे। बैठक में सभी इस आयोजन को सफल बनाने का संकल्प जताया।   बैठक में इस विशेष अवसर को मानने के लिए साल भर में आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा पर चर्चा होगी।इस HLC में प्रधानमंत्री सहित 70 सदस्य हैं और समिति के अध्यक्ष प्रधानमंत्री मोदी हैं। इनमें पंजाब, हरियाणा, बिहार, उत्तरप्रदेश, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, ओड़िशा और राजस्थान के मुख्यमंत्री भी शामिल हैं। इसके अलावा मिल्खा सिंह और हरभजन सिंह जैसे खिलाड़ी भी समिति में शामिल किये गये हैं। यह समिति गुरु तेग बहादुर की 400वीं जयंती की स्मृति से संबंधित नीतियों, योजनाओं और कार्यक्रमों को मंजूरी देगी और आयोजनों की निगरानी की करेगी। साथ ही पूरी दुनिया में गुरु तेग बहादुर की शिक्षा और उनके विचारों का प्रचार- प्रसार करने के लिए नीति और योजना बनाएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 April 2021

 ACCIDENT

एक ही परिवार के 5 की मौत   जोधपुर संभाग के जालौर जिले के सांचौर के पास रविवार सवेरे हुए सड़क हादसे में एक ही परिवार के 5 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। सभी लोग एक ही कार में सवार थे जिसमे  कि सामने से आ रहे एक ट्रक से टकरा गई। टक्कर इतनी भयंकर थी की कार का अगला हिस्सा ट्रक में बुरी तरह से समा गया ,जिसमें सवार दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि शेष तीन ने अस्पताल ले जाते समय व उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।सभी लोग सांचौर के निवासी थे जो जोधपुर से अपने परिवार के एक सदस्य को छोड़ने के बाद पुनः सांचौर जा रहे थे तभी घर से महज 10 किलोमीटर दूर उनके साथ यह हादसा हो गया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 April 2021

 Shivraj Singh Chauhan

शिवराज बोले -यह पवित्र रेवा हमारी आस्था की प्रतीक है   सीएम शिवराज सिंह चौहान ने  पत्नी साधना सिंह  के साथ  सुबह गुजरात में नर्मदा-सागर संगम स्थल पहुंचकर पूजा अर्चना की |  इस अवसर पर सीएम शिवराज ने कहा कि आज इस संगम स्थल पर आकर उन्हें आनंद और संतोष की अनुभूति हुई है  | नर्मदा मैया के दर्शन कर  संकल्प  लिया  कि नदियों का संरक्षण करेंगे, पर्यावरण का संरक्षण करेंगे  |  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने पत्नी साधना सिंह के साथ सागर और नर्मदा के संगम सथल पर पूजा अर्चना की  | उन्होंने कहा  आज मैंने मां नर्मदा से मध्य प्रदेश के समृद्ध होने की कामना भी की है |  समृद्ध मध्य प्रदेश के लिए प्रार्थना के साथ ही कोरोना महामारी पूरी तरह समाप्त हो यह भी प्रार्थना की है | सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि नर्मदा जी जिसके तट पर अनेक साधुओं, महात्माओं, ऋषियों ने तपस्या की, साधना की और मानवता को राह दिखाई  ये मध्य प्रदेश और गुजरात की जीवन रेखा है  | नर्मदा जी से न सिर्फ पीने का पानी, बल्कि सिंचाई और बिजली के उत्पादन का लाभ मिलता है |  यह पवित्र रेवा हमारी आस्था की प्रतीक है  | मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का दिन हमारे जीवन का अत्यंत सौभाग्य का दिन है  | नर्मदा मैया हमारे लिए साक्षात मां है | आज यहां आकर धन्य हो गए और मां से प्रार्थना है की है कि मां, सुख-समृद्धि, रिद्धी-सिद्धी सबकी जिंदगी में आए  | उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति में भी यह कहा गया है कि प्राणियों में सद्भावना हो, विश्व का कल्याण हो, सबका कल्याण हो |  धर्म की जय हो, अधर्म का नाश हो  | आज यही प्रार्थना कर रहा हूं  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 April 2021

  Santosh Gangwar

सप्ताह में केवल 4 दिन करना होगा काम     इन दिनों सप्ताह में 4 दिन काम और 3 दिन छुट्टी को लेकर  कहा जा रहा कि केंद्र सरकार इस नई व्यवस्था को लागू करने की योजना बना रही है। यह भी चर्चा है कि वीक में चार दिन काम होने पर कर्मचारियों से ज्यादा घंटे काम कराने की छूट कंपनियों को मिल सकती है। अब केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने सभी चर्चाओं पर विराम लगा कर  कहा कि सरकारी कार्यलयों में ऐसी व्यवस्था के लिए कोई प्रस्ताव नहीं है। संतोष गंगवार ने एक सवाल के जवाब में लोकसभा को लिखित जवाब देकर  कहा कि सप्ताह में चार दिन या 40 घंटे की काम व्यवस्था शुरू करने की केंद्र की कोई योजना नहीं है। एवं  'चौथे वेतन आयोग की सिफारिश के आधार पर वीक में पांच दिन और ऑफिसों में हर दिन साढ़े 8 घंटे काम किया जाता है।' सातवें वेतन आयोग ने आगे भी इसे बनाए रखा है। बता दें  मसौदे के लागू होने पर कर्मचारियों को हफ्ते में चार दिन काम और तीन दिन छुट्टी का ऑप्शन मिलेगा। साथ ही मंत्रालय असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के पंजीकरण व कल्याण के लिए एक पोर्टल बना रहा है। यह पोर्टल जून तक तैयार होने की संभावना है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 March 2021

 Narottam Mishra

माफिया संभल जाएँ , दिग्विजय के साथ भाजपा     पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले को लेकर मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ममता बनर्जी पर  साधा और कहा की |  भाजपा नेता  दिग्विजय के साथ भाजपा का असंख्य कार्यकर्ता साथ खड़ा है |  नरोत्तम दिग्विजय सिंह और उनके परिवार से मिलने उनके निवास पर भी पहुंचे  |  गौरतलब है की  रात के समय कुछ अराजक तत्वों ने दिग्विजय के घर में फायरिंग की और  धमकी दी  |  जिसको लेकर  मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा दिग्विजय सिंह के घर पहुंचे और  परिवारजनों को विश्वास दिलाया कि पूरा भाजपा परिवार  साथ खड़ा है | उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा की | माफियाओं  की समय सीमा सिर्फ 2 मई तक है |  उसके बाद माफिया  जेल में होगे  | उन्होंने कहा माफिया भ्रम में ना रहें की वे कहीं छुप जाएंगे |  जहाँ रहेंगे खोज के निकालेंगे  | तुम्हारी बौखलाहट बताती है की निर्ममता दीदी जाने वाली है | और मैं तो पहले से ही बोलता आया हूं 2 मई दीदी गई  |   नरोत्तम मिश्रा ने कलेक्टर और एसपी को भी चेतावनी देते हुए कहा की  | अगर कलेक्टर और एसपी टीएमसी के कार्यकर्ता की भूमिका में कार्य करेंगे तो    | उनके लिए अच्छा नहीं होगा  | सरकारे आती और जाती है  | वे अपने कर्तव्यो का  सही तरीके से निर्वहन करें |  उन्होंने कहा  जो राम का नहीं वह किसी काम का नहीं | भाजपा की सरकार बनते हि ऐसे अराजक तत्वों को उनके सही स्थान में पहुंचा दिया जाएगा  | हम रोजगार , विकास की बात करते हैं ममता दीदी खेला होवे की बात करती हैं  | नरोत्तम ने कहा  गृह मंत्री अमित शाह  की पैनी नजर पूरे पश्चिम बंगाल में  है | दीदी यह पंचायत चुनाव नहीं है |  कि आप मनमानी करो  | सीआरपीएफ की निगरानी में होगा पूरा चुनाव |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 March 2021

 Shivraj Singh Chauhan

कांग्रेस ने  असम  को  सिर्फ बर्बाद किया   असम में सीएम  शिवराज की चुनावी सभाएं   एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने असम  में चुनावी सभाओं को सम्बोधित करते हुए कहा राहुल गाँधी जिन्ना के रास्ते पर चल रहे हैं |  जिसे जनता स्वीकार नहीं करेगी | उन्होंने कहा कांग्रेस ने आसाम के विकास को रोक कर उसे बर्बाद कर दिया था |  असम  के तीन विधासभा क्षेत्रो  नाहरकटिया  | दुलियाजान और डिब्रूगढ़ में मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह ने चुनावी सभाओं को सम्बोधित किया और कहा  | यह कांग्रेस  और  राहुल गांधी  |  गांधीजी के रास्ते पर नहीं चल रहे  हैं  | ये जिन्ना के रास्ते पर चल रहे हैं और यह रास्ता आसाम की जनता स्वीकार करेगी और ना देश की जनता स्वीकार करेगी  | उन्होंने कहा असम को बर्बाद करने वाली कांग्रेस जिसने विकास की राह रोक दी |  उसी कांग्रेस के नेता राहुल गांधी विभाजित करने की बात करते हैं | कांग्रेस आज SRP पार्टी बन गई है |  सोनिया राहुल प्रियंका पार्टी ,यह ऐसी पार्टी है जिसके नेता केवल नाटक करने में लगे रहते हैं  | मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा  कांग्रेस ने घुसपैठियों का साथ देने   और देश को बाँटने की कोशिश करने वाले बदरुद्दीन अजमल जैसे आदमी के साथ समझौता कर लिया  | अजमल ऐसा आदमी है जिसके साथ तरुण गोगोई जी ने भी समझौता नहीं किया था  | वो बदरुद्दीन अजमल जिसने असम को तबाह और बर्बाद करने का सपना देखा है  | उससे कांग्रेस ने समझौता कर लिया  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 March 2021

 Narottam Mishra

नरोत्तम :लोकसभा में हाफ विधानसभा में साफ   पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव प्रचार करने पहुंचे  मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कम्युनिस्ट एवं टीएमसी ने बंगाल को कंगाल कर दिया | उन्होंने कहा लोकसभा चुनाव में तृणमूल    हाफ  और विधानसभा में साफ  हो जाएगी  |  रघुनाथपुर विधानसभा जिला पुरुलिया के पार्टी कार्यालय में  3 विधानसभाओं पुरुलिया काशीपुर एवं रघुनाथपुर के सभी पदाधिकारियों को संबोधित  करते हुए  गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा  टीएमसी एवं कम्युनिस्ट ने गरीबों की बात कर सिर्फ वोट लिया  कार्य कुछ नहीं किया |  गरीबों के नाम पर वोट मांग वाले अमीर हो गए |  कम्युनिस्ट पार्टी ने 32 से 34 साल राज किया  |  टीएमसी ने 10 साल राज किया | इन दोनों ने बंगाल को कंगाल कर दिया |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 March 2021

 Narendra Singh modi

  15 अगस्त को भारत की आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं और इस पल को यादगार मनाने के लिए केंद्र सरकार आजादी का अमृत महोत्सव मना रही है। इसी सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब से कुछ देर पहले अहमदाबाद स्थित गांधीजी के साबरमती आश्रम पहुंचे और  प्रधानमंत्री ने कुछ देर बाद हरी झंडी दिखाकर प्रतीकात्मक दांडी यात्रा को रवाना किया । इस प्रतीकात्मक दांडी यात्रा में प्रधानमंत्री मोदी के कुछ दूर की पदयात्रा भी की। इस दौरन पीएम मोदी ने कहा कि देश इतिहास के इस गौरव को सहेजने के लिए पिछले 6 सालों से सजग प्रयास कर रहा है।हर राज्य, क्षेत्र में इस दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं। दांडी यात्रा से जुड़े स्थल का पुनरुद्धार देश ने दो साल पहले ही पूरा किया था। मुझे खुद इस अवसर पर दांडी जाने का अवसर मिला था।गौरतलब है कि अहमदाबाद का साबरमती आश्रम दांडी मार्च का गवाह है, यहीं से महात्मा गांधी ने ग्रेजी हुकूमत के खिलाफ बड़े संघर्ष की मजबूत नींव तैयार की थी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 March 2021

 Fish caught in thorn

 तभी मगरमच्छ  कर दिया हमला   सोशल मीडिया पर आए दिन कई वीडियो वायरल होती रहती  हैं, जिसमे से  अब एक ऐसा वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी शेयर किया जा रहा है। यह वीडियो ऑस्ट्रेलिया का है।इस वीडियो को ऑस्ट्रेलिया के रहने वाले ज्योफ ट्रुटविन  और नट बार्न्स  पश्चिमी तट पर फिशिंग कर रहे थे, उसी दौरान एक शार्क का शिकार किया, जैसे ही शार्क कांटे में फंसी, उसी दौरान एक मगरमच्छ ने भी शार्क पर अटैक कर दिया और जबड़े में उसे कसकर जकड़ लिया। वीडियो में देखा जा सकता है कि मगरमच्छ तकरीबन 8 फुट लंबा था उसने मछुआरों से शार्क को छीनने की पूरी कोशिश की और उसमें सफल भी हो गया। शुरुआत में मछुआरों ने शार्क को पकड़ने का प्रयास किया, लेकिन थोड़ी देर बार शार्क को छोड़ दिया.गया | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 March 2021

 weather

  मार्च का महीना शुरू हो चुका है लेकिन अभी भी देश में मौसम एक जैसा नहीं है। कहीं पर गर्मी है तो कहीं अभी भी ठंड का असर है। मौसम के जानकारों ने बताया है कि अगले तीन से चार दिनों तक देश में बारिश, बर्फबारी की वापसी हो सकती है। अगले 2 दिनों तक पंजाब से लेकर गुजरात तथा दिल्ली और मध्य प्रदेश के तापमान में गिरावट की संभावना है। 3 मार्च को जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित, बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में अलग-अलग गरज के साथ छिटपुट बारिश और  बर्फबारी होने की संभावना है। शुक्रवार को बर्फ बारिश कम हो जाएगी, लेकिन शनिवार से सीधे एक और गड़बड़ी के कारण एक बार फिर से वृद्धि होगी। कुछ दिन ऐसे हो सकते हैं जब काफी तेज़ हवाएँ चलेंगी जबकि कुछ दिन ऐसे हो सकते हैं जब हवा की गति बहुत कम रहेगी। 4-5 मार्च तक दिल्ली एनसीआर समेत उत्तर पश्चिम भारत के शहरों में सुबह और रात के समय मौसम में सर्दी की वापसी हो जाएगी। 6 और 7 मार्च को पंजाब व हरियाणा के तराई क्षेत्रों में भी कुछ स्थानों पर गरज के साथ बारिश की गतिविधियां देखने को मिल सकती हैं। इसके बाद अगले सप्‍ताह 8 और 9 मार्च को समूचे उत्तर भारत में फिर से मौसम शांत रहेगा उसके बाद 10 मार्च को फिर से एक सिस्टम उत्तर भारत में आ जाएगा। 6-8 मार्च के दौरान इस दूसरी क्रमिक प्रणाली से 6-8 मार्च के दौरान इस क्षेत्र में व्यापक रूप से व्यापक वर्षा और बर्फबारी की गतिविधियाँ होने की संभावना है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 March 2021

 Narottam Mishra

जगह-जगह हुआ गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का स्वागत   एमपी के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने  माँ तारा के दर्शन किये और  पश्चिम बंगाल में चुनावी सभाओं को सम्बोधित किया | मिश्रा ने कहा  हमारा अन्नदाता सशक्तिकरण की  दिशा में आगें बढे इसके लिये हमारी सरकार काम कर रही है  | नरोत्तम मिश्रा ने कहा लोकसभा में हाफ हुई तृणमूल कांग्रेस विधानसभा में साफ होगी  | नरोत्तम मिश्रा ने पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में स्थित तारापीठ में शक्तिस्वरूपा माँ तारा के दर्शन कर उनका आशीर्वाद लिया | इस अवसर पर बंगाल के सहप्रभारी अरविंद मेनन  और  मिश्रा ने पार्टी के स्थानीय नेताओं के साथ मां की विधिवत पूजा-अर्चना कर सभी देशवासियों की सुख-शांति और समृद्धि की कामना की  | चुनावी सभाओं में मिश्रा ने कहा  अगर कोई सरकार किसानो के हित में कार्य कर रही है  तो वह नरेंद्र मोदी जी की मजबूत इरादों वाली सरकार है  | जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि  2016 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी bjp  का पश्चिम बंगाल में उदय हो रहा था और कांग्रेस व कम्युनिस्ट पार्टियां अस्ताचल की ओर थी | लोकसभा में हाफ हुई तृणमूल कांग्रेस इस विधानसभा चुनाव में साफ हो जाएगी  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 February 2021

 Narottam Mishra

नरोत्तम ने  बरजोरा विधानसभा में किया प्रचार   एमपी के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा हमारा अन्नदाता सशक्तिकरण की  दिशा में आगें बढे इसके लिये हमारी सरकार काम कर रही है | किसानों के हित के लिए भाजपा प्रतिबद्ध है |  गृह, जेल संसदीय कार्य विधि विधाई मंत्री  नरोत्तम मिश्रा  का  चुनाव प्रचार के लिए पश्चिम बंगाल में जोरदार स्वागत किया गया  | गृह मंत्री डॉ मिश्रा ने  पश्चिम बंगाल के  दुर्गापुर में बरजोरा मोड़ पर जनता से   चाय पर चर्चा  की  | नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि  हमारा अन्नदाता सशक्तिकरण की  दिशा में आगें बढे इसके लिये हमारी सरकार काम कर रही है | अगर कोई सरकार किसानो के हित में कार्य कर रही है  तो वह नरेंद्र मोदी जी की मजबूत इरादों वाली सरकार है  | मोदी सरकार के रूप में पहली बार कोई सरकार किसानों के सशक्तिकरण के लिए इस तरह दिन रात काम कर रही है  |  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अन्नदाता की आय दुगुनी करने, फसलों का सही मूल्य दिलाने, कृषि को तकनीकी से जोडऩे के लिए निर्णायक कदम उठा रहे हैं  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 February 2021

  Accumulated 36 lakh rupees

    एक मामला दिल्ली में आया है। यहां एक महिला शिक्षिका के सेलरी अकाउंट में गलती से यूपी सरकार के 36 लाख रुपए जमा हो गए। सरकारी स्कूल में सेवाएं दे रहीं वंदन चौहान को सुबह एसएमएस आया, तो उन्हें आश्चर्य हुआ। पहले पति को बताया, फिर दिनभर स्कूल किया और शाम को बैंक जाकर पूरे मामले की सूचना दी। वंदन दिल्ली के तुकमीरपुर स्थित राजकीय कन्या उच्चतर विद्यालय नंबर- 1 की शिक्षिका हैं। उनके पति मोहित कुमार भी राजकीय बाल उच्चतर विद्यालय नंबर-दो में शिक्षक हैं। वंदन के मुताबिक, सुबह-सुबह खाते में 36 लाख रुपए जमा होने का एसएमएस आया तो उन्होंने सबसे पहले अपने पति को बताया। तय हुआ कि वे अपने बैंक में जाकर इसकी जानकारी देंगी। उनका खाता ज्योति नगर, लोनी रोड स्थित आईडीबीआइ बैंक की शाखा में हैं। यहां अधिकारियों को जानकारी दी। छानबीन में पता चला कि यह राशि उप्र राजकीय निर्माण निगम लिमिटेड के लिए जारी की गई थी, लेकिन तकनीकी गलती से वंदन के खाते में जमा हो गई।36 लाख रुपए की यह राशि लक्ष्मी भवन, निशातगंज, लखनऊ स्थित पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) से जारी हुई थी। तत्काल पीएनबी में संपर्क किया गया तो पता चला कि उप्र सरकार की तरफ से इस राशि का भुगतान राजकीय निर्माण निगम लिमिटेड को किया गया था। इस एजेंसी का खाता आईडीबीआई बैंक के लखनऊ शाखा में है। बहरहाल, अब वंदना चौहान के खाते में उक्त राशि को फ्रीज कर दिया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 February 2021

 Narottam Mishra

मिश्रा ने किया एक मुट्ठी अन्न का संग्रह   एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा चुनावी तैयारी और प्रचार के सिलसिले में पश्चिम बंगाल के अंडाल पहुंचे और लोगों से चाय पर चर्चा करने के साथ एक मुट्ठी अन्न संग्रहण करते हुए किसान को समृद्धशाली बनाने की बात की  |  पश्चिम बंगाल चुनाव जितने के लिए भाजपा ने पूरा जोर लगा रखा है  | मध्य प्रदेश के डॉ. गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पश्चिम बंगाल के अंडाल में जनता से चाय पर चर्चा करते हुए  भाजपा के विकासात्मक एजेंडे के बारे में लोगों को बताया  | मिश्रा ने अंडाल में एक मुट्ठी अन्न का संग्रहण करते हुए कहा कि किसानों के सम्मान कोई कमी नहीं आने दी जाएगी  | उन्हें खुशहाल बनाने में केंद्र सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी | अन्न के एक-एक दाने का समुचित मूल्य चुकाते हुए किसानों को समृद्धशाली बनाने में जीवन भर काम करेंगे | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 January 2021

  Subhash Chandra Bose

प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी   आचार्य - राजनीति विज्ञान  उ0 प्र0 राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय प्रयागराज, उ0प्र0   भारत की इस पुण्य भूमि पर अनेक ऐसी विलक्षण विभूतियों ने जन्म लिया है जो अपने त्याग, शौर्य एवं पराक्रम तथा नेतृत्व आदि गुणों के अदभुत संयोग के बल पर देश सेवा, राष्ट्रप्रेम तथा विशाल संगठन निर्माण के अद्वितीय हस्ताक्षर बने। ऐसे महापुरूषों की श्रेणी में नेताजी सुभाष चंद्र बोस का नाम सदैव अग्रणी रहेगा जिन्होंने अपने युवा जीवन के सुन्दर एवं सुहाने दिनों को पूर्णतया मातृभूमि की आजादी के लिए न्योछावर कर दिया। यद्यपि वे स्कूली शिक्षा के आरम्भिक वर्षों से ही एक अत्यंत मेधावी छात्र थे तथा अपनी प्रतिभा के बल पर उन दिनों इंग्लैण्ड में आयोजित होने वाली भारतीयों के लिए दुर्लभ एवं कठिन आई0 सी0 एस0 की वर्ष 1919 आयोजित परीक्षा में सफलता अर्जित किया - जो किसी भी नवयुवक का एक स्वप्न होता था। परन्तु चयनित होने की इस शानदार उपलब्धि को दरकिनार करते हुये देश को अंग्रेजों की गुलामी से मुक्ति कराना ही उन्होंने अपने जीवन का एकमात्र लक्ष्य निर्धारित किया।  उन दिनों देश में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेतृत्व में स्वतंत्रता अंादोलन पूरे जोर-शोर से चल रहा था जिसकी मुख्य कमान प्रथम विश्व युद्ध के उपरांत अगले दशकों में महात्मा गाॅंधी और जवाहर लाल नेहरू के हाथों में थी और उनके प्रभाव के आगे अन्य किसी का स्वतंत्र रूप से खड़े हो पाना अत्यंत दुष्कर था। ऐसे कठिन समय में भी श्री बोस ने केवल कुशल नेतृत्व की न केवल एक मिसाल कायम की बल्कि लगभग 45000 सशस्त्र जवानों की एक शक्तिशाली फौज खड़ी करके राष्ट्रीय स्वतंत्रता आंदोलन को एक सशक्त पैनी धार दी। इसने अंगे्रजी हुकूमत की तोप-टैंक एवं गन पाउडर से लैस अत्याधुनिक सेना को कड़ी चुनौती देते हुये भयभीत किया और कालांतर में देश छोड़ने के लिये विवश भी किया। कई मुददों पर महात्मा गाॅंधी जी से वैचारिक मतभेद के बाद भी वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष निर्वाचित हुये जो आजादी के लक्ष्य के प्रति उनकी पूर्ण प्रतिबद्धता के साथ ही इस संगठन में उनकी लोकप्रियता का सूचक था। इस पुनीत लक्ष्य की प्राप्ति के लिये देशव्यापी क्रांति के साधन रूपी अस्त्र के प्रति उनका अटूट विश्वास भी उन दिनों भारतीय जनमानस में आशा की उमंग का संचार करने में सहायक हुआ। यह सब देश में उनके नेतृत्व की बढ़ती हुई स्वीकारोक्ति का स्पष्ट परिचायक था।  स्वतंत्रता प्राप्ति के लक्ष्य के अनुरूप ही उन्होंने 1939 में फारवर्ड ब्लाक नामक राजनीतिक दल की स्थापना की जिसके द्वारा वे पूरी तन्मयता से भारत की आजादी के लिये संपूर्ण देश में जन क्रांति रूपी मशाल जलाना चाहते थे। इसमें क्रंाति की सफलता से प्राप्त देश की आजादी के उपरांत राष्ट्र के पुनर्निर्माण का लक्ष्य भी शामिल था। अपनी इसी प्रतिबद्धता के चलते उन्होंने जनता-जनार्दन को उत्प्रेरित करते हुये नारा दिया कि तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूूंगा या दिल्ली चलो। नेताजी के इन लक्ष्यबेधी नारों ने संपूर्ण जनमानस को न केवल आंदोलित किया बल्कि देशभक्त जनता को अंग्रेजी शासन उखाड़ फेंकने के लिये प्रेरित भी किया। वास्तव में हिंसक क्रंाति के द्वारा जहाॅं वे अंग्रेजी शासन को अपदस्थ करना चाहते थे वहीं आजाद भारत में देशवासियों की अपनी संप्रभु सरकार की स्थापना का स्वप्न भी वे देख रहे थे। इसके अनुक्रम में देश की आजादी के पूर्व ही सर्वप्रथम उन्होंने आजाद हिंद फौज का झंडा फहरा कर अंग्रेजी साम्राज्य को जबर्दस्त झटका दिया और भारतीयों द्वारा देश की स्वतंत्रता को हर हाल में हासिल कर लेने के दृढ़ संकल्प का बिगुल भी बजा दिया। इसे अंगे्रजों के साथ ही संपूर्ण विश्व ने बड़े अचरज के साथ देखा।   इसीलिये उन्होंने अं्रग्रेजी शासन को दो टूक शब्दों में चुनौती देते हुये कहा कि मैं देश की आजादी याचना से नहीं बल्कि छीन कर लूॅंगा क्योंकि अंग्रेजों की नीयत पर उनका भरोसा उठ गया था और यह विश्वास हो गया था कि गाॅंधी-नेहरू की याचना पर आधारित अहिंसक नीति से देश को आजादी नहीं मिलेगी। अतः श्री बोस ने अंग्रेजांे से लड़ने के लिये कंा्रति का रास्ता चुना तथा एक स्वतंत्र सेना का निर्माण किया जिसमें उन्हें कुछ समर्पित क्रंातिकारियों विशेषतया श्री रास बिहारी बोस एवं श्री मोहन सिंह द्वारा स्थापित सैन्य-संगठन विरासत में मिला। वस्तुतः इन क्रंांितकारियोेेें ने विश्वयुद्ध में कैद हुये भारतीय सैनिकों को आजाद करवा कर देश की स्वाधीनता के लिये एक सशस्त्र सैन्य बल तैयार किया था जिसे नेताजी ने सुसंगठित करके विशाल आकार दिया तथा जिसने अंगे्रजों के लिये एक बड़ी चुनौती खड़ी किया। उनकी क्रांतिकारी गतिविधियों के कारण ही अंग्रेजों ने उन्हें कारावास में डाल दिया जहाॅं से वे चुपचाप निकल कर अफगानिस्तान और रूस होते हये जर्मनी आये तथा देश की आजादी के लिये हिटलर कीे नाजी जर्मनी तथा जापान का भी सहयोग लिया जिसमें उन्हें अपेक्षित सफलता भी मिली। द्वितीय विश्वयुद्ध तक आते-आते श्री बोस एक प्रमुख क्रंातिकारी बन चुके थे और यह अंग्रेजी शासन के लिये एक बहुत बड़ी चुनौती थी। अतः वे नेताजी को हर प्रकार से चोट पहुॅंचाकर उनके अस्तित्व को ही समाप्त कर देना चाहते थे। यद्यपि विमान दुर्घटना में हुयी उनकी मृत्यु के रहस्य से पर्दा अभी तक उठ नहीं सका है तथापि एक सुनियोजित षडयंत्र का शिकार बना कर किये गये उनके अंत की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता।      समग्रतः नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी का संपूर्ण जीवन अप्रतिम शौर्य एवं आत्म बलिदान का एक ऐसा विशिष्ट प्रतीक है जिसका उदाहरण अन्यत्र दुर्लभ है तथा जो निश्चय ही स्व की तिलांजलि और हिसंक क्रांति द्वारा मातृभूमि की आजादी और राष्ट्रनिर्माण तथा देश सेवा का एक स्तुत्य पर्याय बन चुका हैे। यह उनके अनुपम व्यक्तित्व एवं कृतित्व का अद्वितीय और कालजयी उदाहरण प्रस्तुत करता है। निश्चय ही मातृभूमि की सेवा और राष्ट्रप्रेम की दुर्दम्य भावना किसी को भी नेताजी की ओर स्वाभाविक रूप से आकर्षित करता है।     

Patrakar प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी उ0 प्र0्र राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज, उ0प्र0

 प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी उ0 प्र0्र राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज, उ0प्र0   28 January 2021

   Google Pay and Phone Pe

कार्ड में छपवाया Google Pay और Phone Pe का क्यूआर कोड    कोरोना वायरस ने लोगो का जीवन पूरी तरह से बदल दिया है। इस जानलेवा महामारी ने शादियों के तरीकों को भी बदल दिया है। अब नवविवाहित शादी में प्रियजनों से उपहार लेने के लिए नए-नए तरीके ढूंढ रहे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग से बचने और शगुन लेने के लिए अब ऑनलाइन मनी ट्रांसफर की सहायता ले रहे हैं। ऐसा ही अनोखा तरीका तमिलनाडु के मदुरै में एक परिवार ने निकाला है। जहां उन्होंने शादी के कार्ड पर ही गूगल पे और फोन पे का क्यूआर कोड छपवा दिया। दुल्हन की मां टी.जे. जयंती मदुरै में ब्यूटी पार्लर चलाती हैं। उन्होंने ही बेटी की शादी में ये अनोखा तरीका निकाला । उन्हें बिल्कुल अंदाजा नहीं था कि उनका तरीका सोशल मीडिया पर वायरल हो जाएगा।   जयंती ने बताया कि करीब 30 मेहमानों ने डिजिटल पैमेंट का इस्तेमाल किया। शादी 17 जनवरी को हुई थी, लेकिन बाद में उसका कार्ड वायरल हो गया। UPI देश में वित्तीय लेनदेन के लिए एक मजबूत मंच के रूप में उभरा है जिसमें मासिक लेनदेन अब औसतन दो बिलियन प्रति माह है। वास्तव में, इसने दिसंबर 2019 से दिसंबर 2020 की अवधि में लेनदेन के मूल्य में 105 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की। दिसंबर 2019 के अंत में, प्लेटफॉर्म पर लेनदेन का कुल मूल्य 2,02,520.76 करोड़ रुपये रहा और 4,166.176.21 रुपये पर पहुंच गया। दिसंबर 2020 तक करोड़।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 January 2021

 Traffic rules

स्कूटर बाइक के लिए भी ये नए नियम   दिल्ली में  सुरक्षित ड्राइविंग के लिए  नए  ट्रैफिक नियमों को लेकर अपडेट हो जाएं | राजधानी दिल्ली में अब कार में पीछे बैठने वाली सवारी के लिए भी सीट बेल्ट लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। अभी तक सुरक्षा के लिहाज से आगे बैठने वाली सवारी के लिए ही सीट बेल्ट लगाना अनिवार्य था, लेकिन अब राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पीछे बैठने वाली सवारी ने भी सीट बेल्ट नहीं लगाया तो 1000 रुपए तक जुर्माना लगाया जा सकता है। दिल्ली पुलिस अब इस नियम को सख्ती से लागू करने की तैयारी कर रही है।नए नियमों को सख्ती से पालन कराने को लेकर दिल्ली पुलिस ने बीते हफ्ते ही नोटिस जारी किया था। दरअसल इस नियम का उद्देश्य सरक सुरक्षा और सुरक्षित ड्राइविंग को सुनिश्चित करना है। दिल्ली के यातायात विभाग की ये सख्ती सिर्फ कार चालकों के खिलाफ ही नहीं है। दिल्ली में अब स्कूटर व बाइक सवारों पर भी सख्ती की जा रही है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 January 2021

 Rameshwar Sharma

हिन्दुओं को तांडव के लिए  प्रेरित  न करें खान गैंग पीर ,पैगम्बर पर फिल्म बनायें सैफ अली बोरिया बिस्तर बांधना पडेगा   एमपी विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेशवर शर्मा ने तांडव विवाद पर खान गैंग से कहा कि अगर फ़िल्में बनाना है तो पीर ,पैगम्बरों पर बनाओ | हिन्दुओं को तांडव करने के लिए प्रेरित न करें  |  अन्यथा सैफ अली खान को भो बोरिया बिस्तर बांधना पड़ जाएगा |  फिल्मों में  हिन्दू देवी देवताओं के अपमान  के मसले पर विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर  रामेश्वर शर्मा खासे नाराज हैं |  उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में खान गैंग से कहा है कि   हिंदुओ को तांडव करने के लिए मजबूर मत करो  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 January 2021

   PF and pension benefits

  केंद्र सरकार ने देश के नाविकों के लिए एक बड़ा फैसला लिया , उन्हें सामाजिक सुरक्षा के दायरे में लाने का निर्णय लिया गया है। साथ ही पीएफ (PF) और पेंशन (Pension) का लाभ भी मिलेगा। इस प्रस्ताव को सरकार ने सैद्धांतिक मंजूरी दी ,इस का लाभ चार लाख नाविकों को होगा। भारतीय राष्ट्रीय नाविक संघ (एनयूएसआई) कर्मचारी कल्याण योजनाओं को मंजूरी के लिए लंबे समय से मांग कर रहा था। एनयूएसआई ने एक बयान जारी कर कहा कि सरकार के फैसला का लाभ देश और विदेशी जहाजों के सभी स्तरों के लगभग चार लाख  भारतीय नाविकों को होगा। पिछले साल जून में एनयूएसआई ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नाविकों को लाभ देने का आग्रह किया है। नाविक संघ ने कहा, केंद्र सरकार ने भविष्य निधि, ग्रैच्यूटी और पेंशन की मांग को स्वीकार कर लिया है। एनयूएसआई के महासचिव व कोषाध्यत्र अब्दुलगनी वाई सेरांग ने बताया, पोत परिवहन महानिदेशक अमिताभ कुमार की अध्यक्षता में हाल में एक बैठक हुई। यह नाविक भविष्य निधि कोष के न्यासी बोर्ड की 137वीं बैठक थी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 January 2021

 Narendra Singh modi

PM मोदी: केंद्र ही खरीदेगा वैक्सीन   देश में जल्द ही कोरोना वायरस के खिलाफ देशव्यापी टीकाकरण अभियान शुरू होने वाला है। इस महाअभियान की रूपरेखा तय करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक  में केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री भी शामिल हुए। बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने  कहा कि वैक्सीन अभियान के लिए सभी राज्यों ने अच्छी तैयारी कर ली है और इस दौरान राज्यों से भी अच्छे सुझाव मिले हैं।  कि कोविशील्ड वैक्सीन के कीमत 200 रुपए होगी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ही फिलहाल सभी वैक्सीन खरीदेगी। फिलहाल दो वैक्सीन को मंजूरी दी जा चुकी है और चार वैक्सीन अभी पाइपलाइन में है। इसमें राज्य सरकारों के साथ निरंतर संपर्क साधा जा रहा है और गौरतलब है कि 5 दिन बाद 16 जनवरी से देश में टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया जाएगा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 January 2021

 Narottam Mishra

नेहरू गाँधी परिवार ने तोड़ा अखंड भारत का सपना   मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में ममता बनर्जी सरकार और  कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा और कहा की |  नेहरू गाँधी परिवार ने भारत के अखंड भारत होने का सपना तोड़ा  | यह बात पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की किताब से भी स्पष्ट हो गया है  | उन्होंने कहा पश्चिम बंगाल में भाजपा की सरकार बनेगी  | और हम यहाँ धर्म स्वातन्त्र विधेयक , और गौ कैबिनेट का गठन करेंगे  |  नरोत्तम मिश्रा ने पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में  ममता बनर्जी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा की  | पश्चिम  बंगाल में भाजपा की पाती बनेगी और ये बात सब को मान लेनी चाहिए  |  भाजपा की सरकार बनने की बात सिर्फ वही लोग नहीं मान रहे  | जिन्होंने लोकसभा में भी इस बात को मानने से इंकार किया था |  इस दौरान उन्होंने नेहरू गाँधी परिवार पर देश को तोड़ने का आरोप लगाया | और कहा की इन परिवार की वजह से देश अखंड भारत नहीं बन पाया | देश पाकिस्तान और बांग्लादेश के रूप में टूट गया |  नेपाल भी भारत का हिंसा होता | और इस बात को स्पष्ट किया गया  है प्रणव दा की लिखी किताब में | अब ये सब बातें जनता को समझ आ गई है | जिससे कांग्रेस धरातल की ओर जा रही है | कांग्रेस एक डूबता जहाज है | भाजपा की सरकार आने पर यहाँ पर भी लव जिहाद के खिलाफ कानून बनेगा |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 January 2021

 Narottam Mishra

सभी भाजपा सरकार बनाने के काम में लगें   मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में  कार्यकर्ताओं से कहा कि  हम सभी को राष्ट्र हित के लिए भाजपा की सरकार बनाने के कार्य में लगना है  | आने वाला वक्त हमारी  परीक्षा का है  |  मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा  पश्चिम बंगाल के दौरे पर हैं | जहां अंडाल एयरपोर्ट पर पश्चिम बंगाल में रहने वाले हिंदी भाषियों ने बड़ी संख्या में   डॉ नरोत्तम मिश्रा का   स्वागत किया  |  मिश्रा दुर्गापुर के भारतीय जनता पार्टी कार्यालय में विधानसभा के कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल  हुए |  पश्चिम बंगाल में कार्यकर्ता  सम्मेलन में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए श्री मिश्रा ने कहा आने वाला समय  परीक्षा का है  | यह समय ऐसा है जब हमारे मन के अंदर एक तड़प जगनी चाहिए |  पश्चिम बंगाल के कार्यकर्ताओं  के कठिन संघर्ष, मेहनत और लगन की चर्चा देशभर में होती है |  जब यहां के कार्यकर्ताओं को पीड़ा होती है उन पर हमले होते हैं तब हम मध्य प्रदेश में रहने वाले कार्यकर्ता भी छटपटा जाते हैं कि  मन के अंदर टीस लगती है कैसे आपके लिए कुछ कर पाए   | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 January 2021

 Pragya Singh Thakur

रामभक्तों पर हमला निंदनीय, बने कठोर कानून मैं सच्ची देशभक्त ,मुझे अपने संविधान पर भरोसा   भोपाल की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर 2008 मालेगांव ब्लास्ट केस मामले में सोमवार को NIA की विशेष अदालत में पेश हुईं | उनके साथ लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद पुरोहित और  र रिटायर्ड  मेजर रमेश उपाध्याय सहित चार अन्य आरोपी भी अदालत के समक्ष पेश हुए | इस दौरान प्रज्ञा ठाकुर ने कहा की उनकी तकलीफ की वजह कांग्रेस पार्टी है |  मालेगांव ब्लास्ट केस में सोमवार को  सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर की एनआईए  कोर्ट में  पेशी हुई | हालाँकि  कोर्ट में अन्य आरोपी अजय रहिरकर और सुधाकर धर द्विवेदी उपस्थित नहीं हो सके  | गौरतलब है की  इस मामले में कुल सात आरोपी हैं |  इसुनवाई के दौरान संसद प्रज्ञा ने अपनी सेहत और सुरक्षा का हवाला देते हुए सुनवाई के दौरान उपस्थित रहने से छूट मांगी |  इसके जवाब में कोर्ट ने उन्हें आवेदन प्रस्तुत करने को कहा |  साथ ही यह भी कहा कि उन्हें जब भी बुलाया जाए, कोर्ट आना होगा  | कोर्ट के बाहर प्रज्ञा  ने मध्य प्रदेश में राम भक्तों पर हो रहे हमले पर प्रतिक्रिया दी  | और कहा  कि मध्य प्रदेश सरकार उन लोगों को करारा जवाब दे रही है जो राम मंदिर निर्माण के लिए धन इकट्ठा कर रहे 'राम भक्तों' पर हमला कर रहे हैं  |  इन हमलों के द्वारा  वामपंथियों ने सांप्रदायिक शांति को बिगाड़ने का प्रयास किया है | ऐसे लोगों को दंडित करने के लिए एक कानून बनाया जाना चाहिए |  उन्होंने विपक्षियों पर  कोरोना वैक्सीन को लेकर ओछी मानसिकता रखने की बात कही  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 January 2021

 Mohan Bhagwat

हिन्दू धर्म में कोई देशद्रोही नहीं   संघ प्रमुख मोहन भागवत  का कहना है कि हिंदू धर्म के मूल में देशभक्ति है, इसलिए कोई हिंदू देशद्रोही नहीं हो सकता  | . राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 'मेकिंग ऑफ अ हिंदू पेट्रिएट- बैकग्राउंड ऑफ गांधीजी  हिंद स्वराज' नामक किताब के विमोचन के मौके पर  मोहन भागवत ने यह बात कही। उन्होंने कहा, 'महात्मा गांधी ने एक अवसर पर कहा था कि मेरी देशभक्ति मेरे धर्म से निकलती है |  संघ प्रमुख मोहन भगवत ने जेके बजाज और एमडी श्रीनिवास  की किताब  'मेकिंग ऑफ अ हिंदू पेट्रिएट- बैकग्राउंड ऑफ गांधीजी  हिंद स्वराज' का विमोचन किया |  इस अवसर पर भगवत ने कहा एक बात साफ है कि हिंदू है तो उसके मूल में देशभक्त होना ही पड़ेगा  |  यहां पर कोई भी देशद्रोही नहीं है | स्वराज्य तब तक आप नहीं समझ सकते जबतक आप स्वधर्म को नहीं समझते हैं  | 'गांधी जी कहते थे कि मेरा धर्म पंथ धर्म नहीं बल्कि मेरा धर्म तो सर्व धर्म का धर्म है  |  गांधी जी यह भी कहा करते थे मेरी देशभक्ति मेरे धर्म से निकलती है | मैं अपने धर्म को समझकर अच्छा देशभक्त बनूंगा और लोगों को भी ऐसा करने को कहूंगा | संघ प्रमुख भागवत ने कहा  गांधी जी ने कहा था कि स्वराज को समझने के लिए स्वधर्म को समझना होगा | एकता में अनेकता, अनेकता में एकता यही भारत की मूल सोच है | पूजा पद्धति, कर्मकांड कोई हों, लेकिन सभी को मिलकर रहना है | अंतर का मतलब अलगाववाद नहीं है  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 January 2021

 weather

  नए साल के मौके पर उत्तर भारत शीत लहर की चपेट में जिससे  अगले 24 घंटे में यह शीत लहर हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान तथा पश्चिमी मध्य प्रदेश में और तेज होने की आशंका जताई जा रही है। यह स्थिति 2 जनवरी तक बनी रहेगी। मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली में नए साल का आगाज शीतलहर से होगा, जबकि उत्तराखंड में चटख धूप खिलने की संभावना बनी  है।  IMD के वरिष्ठ विज्ञानी आरके जेनमणि ने कहा है कि उत्तर भारत में कल तक शीत लहर का प्रकोप बना रहेगा। दो जनवरी के बाद ठंड में थोड़ी कमी आएगी। लेकिन 7 जनवरी से फिर से उत्तर भारत तेज शीत लहर की चपेट में आएगा। आगामी 48 घंटों तक इसी तरह की कड़ाके की सर्दी चुरू समेत उत्तर भारत के मैदानी राज्यों में जारी रहेगी। उसके बाद मौसमी स्थितियों में कुछ बदलाव देखने को मिलेगा। उत्तर भारत के पहाड़ों से लेकर मैदानी राज्यों तक हवाओं के रुख में बदलाव होगा जिससे गिरते तापमान में ब्रेक लगेगी। गुरुवार को राष्ट्रीय राजधानी में स्थित सफदरजंग वेधशाला ने दिल्ली का न्यूनतम तापमान 3.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया, जो इस मौसम में सबसे कम है। यहां घने कोहरे के कारण दृश्यता घटकर 50 मीटर तक हो सकती है। इसके पहले 20 दिसंबर को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 3.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था। IMD के क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि 12 दिसंबर के बाद पश्चिमी विक्षोभ से पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र सबसे ज्यादा प्रभावित होगा, जिसकी वजह से जम्मू-कश्मीर तथा हिमाचल प्रदेश में बारिश तथा बर्फबारी होगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 January 2021

 Snowfall fast

पहाड़ों पर बर्फबारी तेज होने से देशभर में ठंड बढ़ गई जिससे  हिमाचल की राजधानी शिमला में बर्फबारी के बाद 401 सड़कें बंद हो गईं, जिसके कारण  से सैकड़ों पर्यटक फंस गए। शिमला में सोमवार को सीजन की पहली बर्फबारी हुई जिससे  तीन इंच तक की बर्फ हुई । राज्य के दूसरे पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी और मैदानों में भारी बारिश हुई। पूरा राज्य शीतलहर की चपेट में है। तीन नेशनल हाईवे समेत 401 सड़कें बंद हो गई हैं।सड़कें बंद होने से कई जगह पर्यटक भी फंस गए हैं। जिन्हें सुरक्षित निकालने के लिए प्रशासन ने काम शुरू कर दिया है। शिमला जिले में एक ही दिन में एचआरटीसी के 150 रूट प्रभावित हुए हैं। 73 बसें बर्फबारी के बीच फंस गई, जिन्हें बाद में रेस्क्यू कर लिया गया। सोमवार को सिर्फ शिमला में ही तीन हजार गाड़ियां और मनाली में एक हजार गाड़ियों में बाहरी राज्यों से पर्यटक पहुंचे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 December 2020

  General MM Narwane

रक्षा संबंधों को बढ़ाने पर होगा जोर   थलसेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे सोमवार को तीन दिन की दक्षिण कोरिया की यात्रा पर रवाना हुए । अपनी इस यात्रा के दौरान वह द्विपक्षीय सैन्य सहयोग का विस्तार करने के तरीकों पर कोरियाई देश के शीर्ष रक्षा अधिकारियों से वार्ता करेंगे। सेना प्रमुख करीब दो हफ्ते पहले संयुक्त अरब अमीरात और सऊदी अरब की छह दिवसीय अहम यात्रा पर भी गए थे। उनकी यह यात्रा खाड़ी के दो प्रभावशाली देशों के साथ भारत के बढ़ते रणनीतिक संबंधों को दिखाती है।  सेना प्रमुख भारत-कोरिया गणराज्य के बीच रक्षा संबंधों को आगे बढ़ाने के तौर तरीकों पर विचार-विमर्श भी करेंगे। सेना प्रमुख नरवणे गैंगवॉन प्रांत में कोरिया 'कॉम्बैट ट्रेनिंग सेंटर' और डेयजोन में 'एडवांस डिफेंस डेवलपमेंट' (एडीडी) का भी दौरा करेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 December 2020

 Rahul Gandhi

BJP - किसानों के नाम पर कर रहे राजनीति   BJP ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को आज करारा जवाब देते हुए कहा की  किसान आंदोलन के नाम पर केंद्र सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर रहे राहुल को भाजपा ने खुली बहस की चुनौती दी है।  कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर के अनुसार सत्ता में रहने के दौरान कांग्रेस का रवैया हमेशा किसान विरोधी रहा है। राहुल गांधी की बातों पर कांग्रेस के लोग ही विश्वास नहीं करते हैं। डा.त्रिवेदी ने राहुल को चिर युवा, चिर व्याकुल और चिर व्यथित बताते हुए कहा कि वे आदतन, फितरतन और शरारतन झूठे और निराधार आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने सवाल किया कि राहुल जिस राज्य केरल से अभी सांसद हैं वहां मंडी कानून लागू नहीं। आखिर वे वहां मंडी कानून लागू करने के लिए आंदोलन क्यों नहीं कर रहे।  राहुल को साफ-साफ बताना होगा कि इन बड़ी-बड़ी कंपनियों से पंजाब के किसानों को लाभ हो रहा है या नुकसान | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 December 2020

   Leopard State

अब  मध्यप्रदेश में  तेंदुओं की संख्या हुई 3421     मध्यप्रदेश टाइगर स्टेट के बाद  तेंदुआ स्टेट का खिताब बरकरार रखने में कामयाब रहा है |  दिसंबर 2017 से मार्च 2018 तक देशभर में चले   टाइगर स्टीमेशन के दौरान प्रदेश में 3421 तेंदुए गिने गए हैं, जो देश में सर्वाधिक हैं |  केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने तेंदुआ गिनती के आंकड़े घोषित किए हैं | वर्ष 2014 की गिनती में प्रदेश में 1817 तेंदुए थे | लेकिन  चार साल में 1604 तेंदुए बढ़े हैं | इस बीच जब हर साल औसत 60 तेंदुओं की विभिन्न् कारणों से मौत भी हुई है |  लैपर्ड स्टेट मध्यप्रदेश में दो साल पहले हुए गिनती से सामने आए इस आंकड़े में 80 फीसद तेंदुए ऐसे हैं, जो ट्रेप कैमरे ने क्लिक किए हैं |  1783 तेंदुओं के साथ कर्नाटक देश में दूसरे नंबर पर रहा है | बाघ स्टेट के बाद प्रदेश को तेंदुआ स्टेट का ख़िताब  मिलने से सरकार और वन अधिकारी खुश हैं |  देश में सर्वाधिक 526 बाघ मध्य प्रदेश में हैं और अब सर्वाधिक 3421 तेंदुआ भी यहीं हैं |  वर्ष 2017 एवं 2018 में की गई गिनती में प्रदेश में 3271 से 3571 तेंदुए गिने गए | इनमें से 80 फीसद को ट्रैप कैमरे ने क्लिक किया था |  इसमें से भारतीय वन्यजीव संस्थान देहरादून के वैज्ञानिकों ने औसत 3421 का आंकड़ा निकाला है | एक साल पहले ही वन विभाग ने तेंदुओं की आंतरिक गिनती कराई थी  | जिसमें उन 16 जिलों में तेंदुओं की उपस्थिति के प्रमाण मिले थे, जिनमें तीन दशक से एक भी तेंदुआ नहीं देखा गया था | तभी से वन अधिकारियों को यह तो अनुमान था कि प्रदेश, देश में पहले स्थान पर रहेगा, पर संख्या इतनी बढ़ेगी, इसका अनुमान नहीं था |  इसे संयोग ही कहेंगे कि बाघ के बाद तेंदुओं की गिनती में भी कर्नाटक दूसरे नंबर पर रहा है |   एमपी के बैतूल, शहडोल, खंडवा, सागर, डिंडौरी, छतरपुर, सिंगरौली, सतना सहित 16 जिलों में पहली बार तेंदुआ की उपस्थिति के प्रमाण मिले थे | इन जिलों में पिछले दो-तीन साल में तेंदुओं का मूवमेंट शुरू हुआ था, जबकि प्रदेश के 30 जिलों में पहले से तेंदुए पाए जाते थे  |  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 December 2020

 weather

24 घंटों में बढ़ सकती है कड़ाके की सर्दी देश भर में इस समय कड़ाके की सर्दी का अनुभव किया जा रहा है। उत्‍तर भारत से लेकर मध्‍य भारत के राज्‍य तो शीतलहर से कांप उठे हैं। शीतलहर के कारण मैदानों से लेकर पहाड़ों तक कड़ाके की ठंड चल रही है। उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, तथा महाराष्ट्र में भी अब शीतलहर की संभावना होने लगी है |  अगले 3 दिनों तक दिल्ली के लोगों को इस भीषण सर्दी से राहत मिलने की संभावना नहीं हो सकती , मध्य प्रदेश के  दतिया में तो न्यूनतम तापमान 3 डिग्री तक पहुंच गया जबकि  भोपाल मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक जीडी मिश्रा के मुताबिक मध्य प्रदेश के 23 वेदर स्टेशनों पर न्यूनतम तापमान 3 से लेकर 10 डिग्री के बीच रिकॉर्ड किया गया। दिल्‍ली और राजस्‍थान में तो कई वर्षों का रिकॉर्ड टूट गया है। मौसम के जानकारों का कहना है कि आगामी एक सप्‍ताह तक अभी ऐसे ही हालात रहने वाले हैं। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग  ने अगले सप्ताह तक ऐसी ही ठंड की स्थिति बने रहने का अनुमान जताया है। एक हफ्ते बाद कुछ राहत मिलने की उम्मीद की जा सकती है। मौसम विभाग ने 24 से 30 दिसंबर तक के लिए अपने पूर्वानुमान में कहा कि उत्तर-पश्चिम,मध्य और पूर्वी भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से 2-6 डिग्री सेल्सियस नीचे रहेगा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 December 2020

  Redemption

आरएसएस को सुनकर नहीं, बल्कि देखकर समझा जा सकता है     राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता ओम प्रकाश गर्ग की पुस्तक ‘मेरी संघ यात्रा’ का विमोचन संघ के सह-सरकार्यवाह  दत्तात्रेय होसबोले एवं अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख  रामलाल ने किया |  कार्यक्रम में भारतीय जन संचार संस्थान  के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी भी विशेष तौर पर उपस्थित थे |  उज्जैन के स्वयं सेवक ओमप्रकाश गर्ग की पुस्तक  | मेरी संघ यात्रा  |  के विमोचन अवसर पर संघ के सह-सरकार्यवाह  दत्तात्रेय होसबोले ने कहा कि संघ के बारे में कई भाषाओं में पुस्तकें प्रकाशित हुई हैं, लेकिन हर पुस्तक का अलग महत्व होता है |  संघ का एक कार्यकर्ता जब किताब लिखता है, तो उस पुस्तक में सिर्फ उसके अनुभव ही नहीं, बल्कि उसके हृदय की भावना भी समाहित होती हैं  |  उन्होंने कहा कि यह पुस्तक अगली पीढ़ी के लिए संघ का एक दस्तावेज है  |  संघ के अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख   रामलाल ने कहा कि आरएसएस को सुनकर नहीं, बल्कि देखकर समझा जा सकता है और इस पुस्तक में संघ के बारे में जो भी लिखा गया है, वह एक कार्यकर्ता का प्रत्यक्ष अनुभव है |  पुस्तक के लेखक ओम प्रकाश गर्ग ने बताया कि यह पुस्तक आत्मकथ्य नहीं है  | अपने जीवन में संघ और समाज से जुड़कर कार्य करने की जो प्रेरणा मुझे मिली है, उसके संस्मरण इस पुस्तक में शामिल हैं  | इसके अलावा वर्तमान परिस्थितियों में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की क्या आवश्यकता है, इसका विश्लेषण करने का मैंने प्रयास किया है  | पुस्तक की भूमिका संघ के मध्य क्षेत्र संघ चालक  अशोक साहनी ने लिखी है |  पुस्तक में कई संघ गीतों को भी शामिल किया गया है, जो प्रेरक, मार्गदर्शक तथा राष्ट्रभाव का जागरण करने वाले हैं | संघ की रचना, उसके विचार एवं कार्य पद्धति को भी इस पुस्तक के माध्यम से समझा जा सकता है | किताब का प्रकाशन भोपाल के पहले पहल प्रकाशन ने किया है  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 December 2020

 Governing council

शेखर कपूर कौंसिल के अध्यक्ष  और उपाध्यक्ष सतीश कौशिक हैं   भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान  पुणे की सोसायटी और गवर्निंग कौंसिल में भारतीय जनसंचार संस्थान के महानिदेशक प्रो.संजय द्विवेदी को सदस्य के रुप में शामिल किया गया है  |   प्रो. द्विवेदी माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल के कुलसचिव और प्रभारी कुलपति भी रह चुके हैं  | भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान  पुणे की सोसायटी और गवर्निंग कौंसिल में  अध्यक्ष प्रख्यात फिल्म निर्देशक शेखर कपूर और उपाध्यक्ष फिल्म अभिनेता सतीश कौशिक हैं  | जिनके नाम की घोषणा कुछ समय पहले सूचना प्रसारण मंत्रालय ने की थी | अब सोसायटी और गवर्निंग कौंसिल का पुर्नगठन करते हुए इसमें भारतीय जनसंचार संस्थान के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी, दूरदर्शन महानिदेशक मयंक अग्रवाल के अलावा अनेक फिल्मी हस्तियों को शामिल सदस्य के रुप में शामिल किया गया है |  जिनमें अभिनेत्री कंगना राणावत,दिव्या दत्ता, फिल्म निर्देशक विधु विनोद चोपड़ा, राजकुमार हिरानी, गीतकार प्रसून जोशी, गायक अनूप जलोटा, अभिनेता डैनी डोंगजप्पा जैसे नाम शामिल हैं  | भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान भारत सरकार के सूचना प्रसारण मंत्रालय के स्वायत्तशासी संस्थान के रूप में काम करता है, जिसे एक सोसायटी के माध्यम से चलाया जाता है |  इसी सोसायटी के सदस्यों से चयनित सदस्य ही  गवर्निंग कौंसिल में चुने जाते हैं |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 December 2020

 Governing council

शेखर कपूर कौंसिल के अध्यक्ष  और उपाध्यक्ष सतीश कौशिक हैं   भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान  पुणे की सोसायटी और गवर्निंग कौंसिल में भारतीय जनसंचार संस्थान के महानिदेशक प्रो.संजय द्विवेदी को सदस्य के रुप में शामिल किया गया है  |   प्रो. द्विवेदी माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल के कुलसचिव और प्रभारी कुलपति भी रह चुके हैं  | भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान  पुणे की सोसायटी और गवर्निंग कौंसिल में  अध्यक्ष प्रख्यात फिल्म निर्देशक शेखर कपूर और उपाध्यक्ष फिल्म अभिनेता सतीश कौशिक हैं  | जिनके नाम की घोषणा कुछ समय पहले सूचना प्रसारण मंत्रालय ने की थी | अब सोसायटी और गवर्निंग कौंसिल का पुर्नगठन करते हुए इसमें भारतीय जनसंचार संस्थान के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी, दूरदर्शन महानिदेशक मयंक अग्रवाल के अलावा अनेक फिल्मी हस्तियों को शामिल सदस्य के रुप में शामिल किया गया है |  जिनमें अभिनेत्री कंगना राणावत,दिव्या दत्ता, फिल्म निर्देशक विधु विनोद चोपड़ा, राजकुमार हिरानी, गीतकार प्रसून जोशी, गायक अनूप जलोटा, अभिनेता डैनी डोंगजप्पा जैसे नाम शामिल हैं  | भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान भारत सरकार के सूचना प्रसारण मंत्रालय के स्वायत्तशासी संस्थान के रूप में काम करता है, जिसे एक सोसायटी के माध्यम से चलाया जाता है |  इसी सोसायटी के सदस्यों से चयनित सदस्य ही  गवर्निंग कौंसिल में चुने जाते हैं |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 December 2020

  HAMLA

नरोत्तम : ममता के माफियाओं से भाजपा नहीं डरने वाली    भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और भजपा के महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय के काफिले पर  तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पथराव कर दिया  |  इस घटना पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान  ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा की  भाजपा के राष्ट्रीय नेताओं पर फेंके गए पत्थर टीएमसी के ताबूत में अंतिम कील साबित होंगे  | उन्होंने कहा यह  ममता बनर्जी की कायराना हरकत  है  |   जेपी नड्डा की यात्रा से पहले डायमंड हार्बर में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की  |  भाजपा के रष्ट्रीय अध्यक्ष  नड्डा के कार्यक्रम स्थल से पार्टी के बैनरों को फाड़ दिया गया  | जे पी नड्डा ने कहा  पश्चिम बंगाल में ‘जंगल राज’ चल रहा है  | अराजकता का माहौल बना हुआ है  | उन्होंने कहा ममता का ये गुंडा राज बहोत दिनों तक नहीं चलने वाला है  | गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने हमले की कड़ी आलोचना करते हुए कहा की  | इस हमले से भाजपा कार्यकर्ता डरने वाले नहीं हैं |  उन्होंने कहा ये ममता बैनर्जी के जो माफिया हैं | . उनसे कोई डरने वाला नहीं है  | ममता की सरकार अब  रहने वाली नहीं है | इस हमले ने भाजपा कार्यकर्ताओं के जमीर को ललकारा है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 December 2020

  Polluted city

लाहौर सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर  हवा में घुल रहा है जहर , रहे सावधान      प्रदूषण के मामले में भारत  कि राजधानी दिल्‍ली देश को सबसे प्रदूषित शहर के रूप में चिन्हित किया गया था। इसका कारण यहां बड़े पैमाने पर फैला वायु प्रदूषण है। यहां की हवा की गुणवत्‍ता बहुत खतरनाक स्‍तर पर पहुंच चुकी है। ताजा रैंकिंग में दिल्‍ली के बाद पाकिस्‍तान का लाहौर दूसरा सबसे प्रदूषित शहर है। दिल्ली की वायु गुणवत्ता को  "गंभीर" श्रेणी में रखा गया था।  एक्यूआई 456 दर्ज किया गया। गौरतलब है की  AQI का स्तर 300 से ऊपर हो जाता है। तो वह हानिकारक सिद्ध होता है।  इस दौरान  बुजुर्गों, बच्चों और बीमारों को  घर के अंदर रहना चाहिए। इसके साथ ही  शारीरिक गतिविधियों से बचना चाहिए। विशेषज्ञों के अनुसार, कम हवा की गति, ठंडी हवा की ग्राह्यता और खेत की आग में वृद्धि ने दिल्ली में वायु प्रदूषण को बढ़ा दिया है। आपको बता दें पाकिस्तान का लाहौर एक बार फिर दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में शीर्ष स्थान पर रहा। यूएस एयर क्वालिटी इंडेक्स के अनुसार, लाहौर में अतिसूक्ष्म कणों (पीएम) की रेटिंग 423 रही। पाकिस्तान की आर्थिंक राजधानी कराची एक्यूआइ में सातवें स्थान पर रही। भारत की राजधानी नई दिल्ली 229 के एक्यूआइ के साथ दूसरे स्थान पर रही। नेपाल की राजधानी काठमांडू सबसे प्रदूषित शहरों में तीसरे स्थान पर रही।   जहां पीएम 178 दर्ज किया गया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 December 2020

 AMIT SHAH

कुछ लोगों ने राजनैतिक लाभ के लिए नहीं होने दी योजना लागू  गृह मंत्री अमित शाह ने ओवैसी की पार्टी पर साधा निशाना   हैदराबाद में  गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि अब जल्‍द ही निजाम कल्‍चर को खत्‍म किया जाएगा। इस दौरान उन्‍होंने बीजेपी को अपार समर्थन दिखाने के लिए लोगों का आभार व्यक्त किया।  शाह ने कहा मैं रोड शो के बाद आश्वस्त हूं कि इस बार भाजपा अपनी सीटें बढ़ाएगी।  और  अपनी उपस्थिति को मजबूत करने के लिए नहीं लड़ रही है, लेकिन इस बार हैदराबाद के मेयर हमारी पार्टी के होंगे।उन्होंने कहा  हैदराबाद में आईटी हब बनने की क्षमता है। इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास नगर निगम द्वारा किया जाना चाहिए।   भले ही धन राज्य और केंद्र द्वारा दिया गया हो। इस दौरान उन्होंने  टीआरएस और  कांग्रेस पर भी निशाना साधा।  शाह ने कहा वे  हैदराबाद को भ्रष्टाचार से पारदर्शिता की ओर ले जाना चाहते हैं। हम हैदराबाद को तुष्टिकरण से विकास की ओर ले जाना चाहते हैं।  हैदराबाद को डाइनेस्टी  से लोकतंत्र  की ओर ले जाना चाहते हैं। चाहे ओवैसी साहब की पार्टी हो या TRS हो, सब हमें सवाल करते हैं। मैं इसने पूछना चाहता हूं कि इतने बड़े तेलंगाना में आपको आपके परिवार के अलावा कोई नहीं मिलता है क्या? क्या किसी में कोई टेलेंट नहीं है? शाह ने जनता से एक बार भाजपा को मौका देने की बात कही। उन्होंने कहा  सारे अवैध निर्माण  हटाकर पानी की निकासी सुचारू की जाएगी।उन्होंने कहा पीएम नरेन्द्र मोदी  हैदराबाद के लोगों के लिए आयुष्मान भारत योजना लाए ताकि गरीबों को साल में 5 लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज का लाभ मिल सके। लेकिन कुछ लोग राजनैतिक लाभ के लिए इस योजना को लागू  नहीं होने दिया गया।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 November 2020

 Narendra Singh modi

जल्दी ही कोरोना वैक्सीन आने की सम्भावना शिवराज :मास्क लगाए रखें दूरी बनाए रखें   पीएम मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा अब कोई लॉकडाउन नहीं होगा  | मुख्यमंत्री ने कहा जल्दी ही कोरोना वैक्सिन आने की सम्भावना है और जब तक वैक्सिन नहीं आती तब तक मास्क लगाए रखें ,दूरी बनाये रखें  |  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कोरोना संक्रमण को लेकर मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक को लेकर सीएम शिवराज सिंह ने कहा हमारे वैज्ञानिक, प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में लगातार यह प्रयास कर रहे हैं  |  कोरोना महामारी में से निपटने में जल्दी से वैक्सीन आ जाए और बहुत जल्दी वैक्सीन आने की संभावना है  | ह्यूमन ट्रायल भी शुरू हो गए हैं |  आज बैठक में हमने यह विचार किया कि वैक्सिन आने पर टीकाकरण का काम कैसे किया जाए  | उसकी हमने व्यवस्थाएं बनाई है, मध्यप्रदेश भी पूरी तैयारी कर रहा है  | कोल्ड चैन और उसके साथ साथ टीकाकरण के लिए आवश्यक सभी व्यवस्थाएं, प्रशिक्षण इसकी तैयारी हमने कर ली है |  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा   प्रधानमंत्री जी ने भी और मैं भी अपनी जनता से निवेदन करना चाहता हूं अभी तो वैक्सीन आई नहीं है, लेकिन काम चल रहा है जल्दी ही वैक्सीन आएगी  | लेकिन वैक्सिंग भी आ जाए तो हम को ढिलाई बिल्कुल नहीं रखनी है  |  क्योंकि कोरोना से बचने का सशक्त माध्यम मास्क लगाना है  | इसलिए मास्क लगाए रखें दूरी बनाए रखें  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 November 2020

 corona

जल्द आ सकती है कोरोना वैक्सीन  सर्वोच्च अदालत ने चार राज्यों से मांगी रिपोर्ट   दीवाली के बाद तेजी से कोरोना मामले सामने आने के बाद प्रशासन नई रणनीतियों पर कार्य कर रहा है । लोगों को मास्क लगाने और शारीरिक दूरी का पालन करने जैसे नियमों को लेकर  सख्ती बरती जा रही है। वैक्सीन पर  प्रयास जारी हैं। अमेरिका की दो कंपनिया  इस ओर  आगे बढ़ रही  हैं। बताया जा रहा है की  दिसंबर से टीके लगाने शुरू हो जाएंगे। यह दुनियाभर के लिए बहुत बड़ी खबर है। भारत में भी साल के अंत तक या नए साल के शुरू में टीका सामने आ सकता है। भारत मे कोरोना के मामले लगातार सभी प्रदशों में बढ़ रहे हैं।   कुल मरीजों का आंकड़ा 91,39,866 पहुंच गया है। भारत में कोरोना वैक्सीन को लेकर रणनीति पर काम शुरू हो गया है। केंद्र सरकार एक ऐप बनवा रही है, जिसे डाइनलोड करने पर यह जानकारी मिलेगी कि टीक कब और कहां लगवाया जा सकता है। इस पर हर शहर के टीकाकरण केंद्रों की मैपिंग होगी। उधर एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सर्वोच्च अदालत ने कहा, राज्य सरकारें बताएं कि उन्होंने कोरोना महामारी रोकने के लिए क्या कदम उठाए? दिल्ली सरकार की ओर से मौखिक रूप से बताने की कोशिश की गई, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सभी राज्य स्टेटस रिपोर्ट दें। सुप्रीम कोर्ट ने आशंका जताई कि आने वाले दिनों में हालात और बिगड़ सकते हैं। जिन चार राज्यों से स्टेटस रिपोर्ट मांगी है, उनमें शामिल हैं दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात और असम।     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 November 2020

   A Suitable Boy

भाजयुमो के नेता गौरव तिवारी ने दर्ज कराई शिकायत वेब सीरीज में से कुछ दृश्य नहीं हटाए तो करेंगे प्रदर्शन   नेटफ्लिक्स पर चल रही वेब सीरीज की फिल्म 'ए सुटेबल ब्वॉय' में दिखाए अश्लील दृश्यों को लेकर भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री गौरव तिवारी ने एसपी रीवा से विरोध दर्ज कराया है  | इस के दृश्यों को लेकर एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी इस पर आपत्ति जाहिर करते हुए मामले में उचित कार्यवाही की बात कही है  | भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री गौरव तिवारी ने कहा   कि अगर डायरेक्टर ने अहिल्याबाई एवं महेश्वर की पृष्ठभूमि वाले सीन नहीं हटाए तो हिंदू समाज के लोग आहत होकर सड़कों पर प्रदर्शन करने के लिए मजबूर होंगे  |  उन्होंने इसे लव जिहाद से जुड़ा बताया है  |  मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस मामले में ट्वीट कर कहा कि एक ओटीटी मीडिया प्लेटफॉर्म पर 'ए सुटेबल ब्वॉय' नामक फिल्म जारी की गई है |  इसमें बेहद आपत्तिजनक दृश्य दिखाए गए हैं जो एक धर्म विशेष की भावनाओं को आहत करते हैं  |  मैंने पुलिस अधिकारियों को इस विवादास्पद कंटेंट का परीक्षण कराने को निर्देशित किया है | पुलिस अधिकारी परीक्षण कर बताएंगे कि संबंधित ओटीटी प्लेटफार्म और फिल्म के निर्माता निर्देशक पर धार्मिक भावनाएं आहत करने के लिए क्या कानूनी कार्रवाई की जा सकती है  | शिकायत के बाद रीवा पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सिंह ने कहा कि किसी भी वेब सीरीज या फिल्म के फिल्मांकन को लेकर एक कमेटी का गठन होता है  | कमेटी से एनओसी दिए जाने के बाद ही फिल्मांकन किया जाता है | वे पूरे मामले की जांच करेंगे और आरोप सही पाए जाते हैं तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी |  गौरव तिवारी का कहना है मंदिर में जूते पहनकर जिस तरह के दृश्य फिल्माए गए हैं वह धार्मिक भावनाओं के विरुद्ध है|   इस तरह की वेब सीरीज समाज में बांटने का काम कर रही है |  अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर यह हमारी भावनाओं को ठेस पहुंचाई जा रही  है |  गौरव तिवारी का कहना है कि यह लव जिहाद से जुड़ा है, जिसमें नायिका एक सीन में कहती है कि तुमने मुझे अपना सरनेम क्यों नहीं बताया  |  इस पर वह कहता है कि इससे क्या फर्क पड़ता है |  उनका यह भी कहना है कि जब इसकी शूटिंग मध्य प्रदेश में हुई थी तब प्रदेश में हमारी सरकार नहीं थी  |  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 November 2020

  Perk Development "Discussion

 ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान के तहत एक व्यापक रिफार्म प्रक्रिया को शुरू   रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के निमंत्रण पर पीएम मोदी ने "वैश्विक स्थिरता, साझा सुरक्षा और बदलाव परकह विकास" विषय पर वर्चुअल ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भाग लिया।  पीएम नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्सस शिखर सम्मेवलन में  कोरेाना महामारी के बीच आर्थिक सुधार पर ध्यान केंद्रित करते हुए पड़ोसी देश द्वारा आतंकवाद की मदद, कोरोना वैक्सीान और आत्मआनिर्भर भारत जैसे मुद्दों पर  चर्चा की। ।   अपने भाषण में आतंकवाद को दुनिया के सामने बड़ी समस्या बताते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आतंकवादियों को सहायता और मददगार देशों को दोषी ठहराया जाए। पीएम मोदी ने अपने भाषण में पाकिस्तान  का नाम सीधे तौर पर लिए बगैर कहा की आतंकवाद फैलाने वाले देशों को दोषी ठहराया जाना जरुरी।   पीएम ने अपनी तरफ से आतंकवाद के खिलाफ ब्रिक्स देशों की एक संयुक्त कार्ययोजना बनाने के लिए सदस्य देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की एक समिति भी गठित करने का प्रस्ताव किया है।  मोदी ने कहा कि, 'इस समस्या का संगठित तौर पर समाधान निकाला जाना चाहिए। उन्होंने ब्रिक्स के मौजूदा अध्यक्ष रूस की अगुवाई में आतंकवाद के खिलाफ एक समग्र रणनीति को अंतिम रूप देने का स्वागत किया।  मोदी ने  कहा, हमने ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान के तहत एक व्यापक रिफार्म प्रक्रिया को शुरू किया है। यह भारत में कोरोना वायरस के बाद वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए कई गुना शक्तिदायक हो सकता है। यह वैश्विक वैश्विक चेन में एक मजबूत योगदान दे सकता है। उन्होंने कहा हमने कोविड के दौरान भारतीय फार्मा उद्योग की क्षमता देखि।  और इसी के तहत हम 150 से अधिक देशों को आवश्यक दवाइयां भेज पाए। हमारी वैक्सीन उत्पादन और डिलीवरी क्षमता भी इस तरह मानवता के हित में काम आएगी। इस दौरान उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद, विश्व व्यापार संगठन , आइएमएफ के  ढांचे पर सवाल उठाया। इस मौके पर उन्हों ने यहां तक कहा कि ये दुनिया में हो रहे बदलावों के मुताबिक अपनी भूमिका नहीं निभा पा रहे हैं। इनके काम करने के तरीके को लेकर सवाल उठ रहे हैं। ये संगठन अब भी 75 वर्ष पुरानी मानसिकता पर काम रहे हैं। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में बदलाव को सबसे जरूरी बताया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 November 2020

 Narendra Singh Tomar

जनता और कार्यकर्ताओं के कारण मिली जीत   एंकर -केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और   राज्यसभा सांसद ज्योतिराज सिंधिया भोपाल के राजा भोज एयरपोर्ट पर पहुंचे | जहाँ भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनका जमकर स्वागत किया  | इस दौरान सिंधिया ने उपचुनाव में भाजपा की जीत का श्रेय जनता को दिया |   वहीँ तोमर ने कहा की यह कार्यकर्ताओं  और  भाजपा की नीतियों की जीत  हुई है |  भोपाल पहुंचे नरेंद्र सिंह  तोमर ने कहा की कई प्रदेशों में भाजपा की जीत हुई है |  इसमें भाजपा के कार्यकर्ताओं जो मेहनत की उसका परिणाम आया है  | जीत को लेकर उन्होने जनता का आभार जताता | इस दौरान उन्होंने कहा की  यह जीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति जो जनता का प्यार है उसकी जीत है  | प्रशिक्षण को लेकर उन्होंने कहा की यह भाजपा की एक नियमित प्रक्रिया है |  इसमें सभी लोगों को प्रशिक्षित किया जाता है |  इस दौरान उन्होंने कांग्रेस को लेकर कहा की कांग्रेस पार्टी को अवलोकन करने की जरूरत है |  वहीँ ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उपचुनाव में जीत को लेकर कहा की यह जीत जनता की है |  भाजपा कार्यकर्ता  सीएम शिवराज तथा केंद्रीय नेतृव की है | उन्होंने कहा की यह जीत  भाजपा की जनहितैशी नीतियों की जीत है  |           

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 November 2020

  Aam Aadmi Party

कोरोना बढ़ने पर बाहरी लोगों को बताया जिम्मेदार   देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामले  लगातार बढ़ रहे हैं। बीते 24 घंटों में 99 लोगों की मौत हुई है।  कोरोना के 6,396 नए मामले सामने आए। जिसके बाद दिल्ली में संक्रमण की कुल संख्या 4,95,598 हो गई है। पिछले 24 घंटों में 99 नई मौतों के साथ मरने वालों की संख्या बढ़कर 7,812 हो गई है। इस दौरान  केजरीवाल सरकार केंद्र के साथ मिलकर हर संभव कदम उठाने में जुटी है। अरविंद केजरीवाल ने  मिनी लॉकडाउन का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा है। अधिक संक्रमण वाले इलाकों में भीड़ वाले बाजारों को कुछ दिन के लिए बंद करने की अनुमति मांगी गई है।उपराज्यपाल को चिट्ठी लिखकर कुछ अन्य पाबंदियां लगाने की अनुमति मांगी है।  एक बार फिर कोरोना को लेकर राजनीति शुरू हो गई है।  आम आदमी पार्टी के नेता और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने राजधानी में कोरोना फैलने के पीछे बाहरी लोगों का जिम्मेदार ठहराया दिया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 November 2020

  Terrorist

  दिल्ली को दहलाने की बड़ी साजिश नाकाम, स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किए 2 आतंकी  देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) को दहलाने की बड़ी साजिश को दिल्ली पुलिस ने नाकाम कर दिया है. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल को बड़ी कामयाबी मिली है और 2 आतंकी गिरफ्तार किए गए हैं. बताया जा रहा है कि दोनों आतंकियों का संबंध जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) से है और दोनों की दिल्ली में धमाका करने की साजिश थी.| खुफिया एजेंसियों और स्पेशल सेल की पूछताछ जारी | गिरफ्तारी के बाद खुफिया एजेंसियों और स्पेशल सेल की संयुक्त टीम दोनों आतंकियों से पूछताछ कर रही है. दोनों की पहचान जम्मू-कश्मीर बारामुला के अब्दुल लतीफ मीर और कुपवाड़ा के मोहम्मद अशरफ के रूप में हुई है. उनके पास से पिस्तौल और कारतूस जब्त किए गए हैं.|   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 November 2020

   Press day

  16 नवंबर को देश में नेशनल प्रेस डे मनाया जाता है। ये दिन  मीडिया के महत्व और उसकी आजादी पर चर्चा का दिन होता  है। जिसको देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ,केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और  केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने नेशनल प्रेस डे की शुभकामनाएं दी। इस दौरान सभी लोगों ने  ने कोरोना महामारी के मुश्किल समय में मीडियाकर्मियों की भूमिका की तारीफ की। पीएम मोदी ने पीआईबी पर जारी एक वीडियो में राष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर संदेश दिया । वहीं अमित शाह ने अपने ट्वीट में मीडिया को प्रेस डे पर बधाई दी । उन्होंने लिखा हमारी मीडिया बिरादरी अपने महान राष्ट्र की नींव को मजबूत करने की दिशा में अथक प्रयास कर रही है। मोदी सरकार प्रेस की स्वतंत्रता के लिए प्रतिबद्ध है और इसका विरोध करने वालों के खिलाफ है। COVID-19 के दौरान मीडिया की उल्लेखनीय भूमिका सराहनीय है।'  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 November 2020

   Press day

  16 नवंबर को देश में नेशनल प्रेस डे मनाया जाता है। ये दिन  मीडिया के महत्व और उसकी आजादी पर चर्चा का दिन होता  है। जिसको देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ,केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और  केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने नेशनल प्रेस डे की शुभकामनाएं दी। इस दौरान सभी लोगों ने  ने कोरोना महामारी के मुश्किल समय में मीडियाकर्मियों की भूमिका की तारीफ की। पीएम मोदी ने पीआईबी पर जारी एक वीडियो में राष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर संदेश दिया । वहीं अमित शाह ने अपने ट्वीट में मीडिया को प्रेस डे पर बधाई दी । उन्होंने लिखा हमारी मीडिया बिरादरी अपने महान राष्ट्र की नींव को मजबूत करने की दिशा में अथक प्रयास कर रही है। मोदी सरकार प्रेस की स्वतंत्रता के लिए प्रतिबद्ध है और इसका विरोध करने वालों के खिलाफ है। COVID-19 के दौरान मीडिया की उल्लेखनीय भूमिका सराहनीय है।'  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 November 2020

bihar chunav

  बिहार में अंतिम चरण के मतदान के साथ आज पिछले कुछ दिनों से चल रहीं चुनाव की प्रकिया पूरा हो जायेगी। यह चुनाव कई दृष्टि से महत्वपूर्ण है। जहां यह सुशासन बाबू के भाग्य का फैसला करेगा, वहीं यह राज्य के जाति समीकरणों पर चलने वाली राजनीति के छिपे पहलुओं को भी उजागर करेगा। राज्य के वर्तमान मुख्य मंत्री नीतीश कुमार यद्यपि अपने अब तक के लंबे कार्यकाल के दौरान की उपलब्धियां गिनाने में जुटे हैं परन्तु विपक्षी महागठबंधन, वर्तमान मुख्य की सरकार की असफलताओं - विशेषतया कोराना संकट के दौर में संक्रमित मरीजों की उचित देखभाल और उनके स्वास्थ्य की रक्षा के पर्याप्त उपाय करने में विफल रहने - के साथ राज्य में जनता-जर्नादन के लिये मूलभूत सुविधाओं को जुटाने में असफल होना बता रहे हैं।   जैसा कि राज्य चुनावों के पूर्व उदाहरण बताते हैं कि हमारे देश के राज्य एवं स्थानीय चुनावों में यद्यपि स्थानीय मुददों की प्रधानता रहती है लेकिन इस बार देशव्यापी लाकडाउन के दौरान दिल्ली, मुम्बई, कोलकाता तथा अन्य बड़े नगरों से अपने-अपने घरों को पलायन करने वाले मजदूरों और कामगारों की परेशानियों और काम के अभाव में उनके जीवन में उत्पन्न चुनौतियों का मामला संभवतः विशेष भूमिका निभायेगा। जैसा कि सभी लोग जानते हैं कि इस पलायन में दैनिक रूप से आमदनी करके अपनी जीविका चलाने वाले श्रमिकों को अत्यधिक कठिनाईयों का सामना करना पड़ा, विशेष रूप से जब उन्हें आवागमन के साधनों के बन्द हो जाने के कारण सैकड़ों हजारों मील की दूरी तपती धूप में सपरिवार पैदल चलते हुये पूरी करना पड़ा था। इस यात्रा में कई लोग दुर्घटना के शिकार हुये और कुछ तो यात्रा की परेशानी के कारण अपनी जान से भी हांथ धो बैठे। निश्चय ही ये सभी लोग केंद्र सरकार द्वारा एकाएक लाकडाउन लगाने के फैसले से नाखुश हैं। चूंकि राज्य में नीतीश जी की सरकार केंद्र सरकार के राजनीतिक दल भा0 ज0 प0 के समर्थन से चल रही है तथा इस चुनाव में भी भा0 ज0 प0 के नेतृत्व वाले एन0 डी0 ए0 में भी शामिल है अतः इन मजदूर और कामगार वर्गों का संचित रोष वर्तमान सरकार के विरूद्ध जा सकता है।     इसी के साथ नये युवा मतदाताओं की बढ़ती संख्या इस चुनाव को उनके युवा नजरिये से देखते हुये प्रभावित करने का प्रयास भी करेगी जिसके दायरे में रोजगार, स्वास्थ्य, सड़क, बिजली, साफ पानी, हर साल आने वाली बाढ़ की समस्यायें तथा जनता से किये गये वायदों और लोक लुभावन नारों को तौला एव परखा भी गया होगा। महागठबंधन के प्रमुख नेता तेजस्वी यादव के द्वारा सरकार बनाते ही दस लाख सरकारी नौंकरियां देने का वादा स्वाभाविक रूप से युवाओं को आकर्षित करेगा हालांकि प्रत्युत्तर में एन0 डी0 ए0 का लगभग दूने का वायदा शायद काम कर जाये। तथापि दस लाख नौकरियां कहां से आयेंगी यह एक विचारणीय प्रश्न है। चूंकि आज सूचना क्रांति का युग है और लगभग सभी के हाथ में, विशेष रूप से नवयुवकों एवं नवयुवतियों के पास, मोबाइल है जिसमें सभी जानकारियां उपलब्ध रहतीं हैं। अतः पहले की भांति मतदाताओं को गुमराह करके उनका वोट हासिल करना अब आसान नहीं रह गया है। इस चुनाव में बिहार के ही दिग्गज नेता रहे स्व0 राम विलास पासवान के पुत्र एवं स्वयं चुनाव प्रत्याशी चिराग पासवान के पक्ष में नये मतदाताओं का स्वाभाविक रूझान कई कारणों से हो सकता है जिनमें उनके पिता की समृद्ध विरासत तथा उनकी हाल में ही हुई मृत्यु से उत्पन्न हमदर्दी की लहर, जातिगत कारण और उनका नया-नवेला युवा नेतृत्व आदि प्रमुख हैं। यद्यपि इस चुनाव के एक्जिट पोल से आ रहे परिणाम भ्रमपूर्ण परिदृश्य पैदा कर रहे हैं तथापि नीतीश जी के विरूद्ध पहले के चुनावों की भांति एंटी इनकमबेंसी फैक्टर अवश्य ही काम करता दिखाई दे रहा है जो महागठबंधन के लिये फायदेमन्द हो सकता है। हालांकि दोनों प्रतिद्वंदियों के बीच कांटे की टक्कर दिखाई दे रही है जिसके कारण त्रिशंकु ऐसेम्बली की संभावना भी हो सकती है। तथापि दोनों पक्षों के अंतर बहुत कम होगा। ऐसी भ्रमात्मक स्थिति में वास्तविक स्थिति तो चुनाव के नतीजे आने पर ही स्पष्ट हो सकेगी।  

Patrakar प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी उ0 प्र0्र राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज, उ0प्र0

 प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी उ0 प्र0्र राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज, उ0प्र0   10 November 2020

  Pf account

फॉर्म भरकर जानकारी सही दें , कम समय में पैसे निकाले   पीएफ खाते में से एडवांस निकासी या सामान्‍य निकासी करने वाले कर्मचारी को राहत की खबर है।  देखा गया है की  कई लोग अपना PF पीएफ का पैसा इसलिए नहीं निकाल पाते हैं क्‍योंकि उनका केवाईसी पूरा नहीं होता है। यदि होता भी है तो उनका यूएएन जनरेट नहीं हो पाता है। पीएफ संबंधी मामलों में UAN एक अनिवार्य नंबर माना जाता है। इसके बिना पैसों की निकासी मुश्किल है। लेकिन अब  यदि आपके पास यूएएन नंबर नहीं है, इसके बावजूद आप पीएफ खाते से पैसे निकाल सकते हैं। इसके लिए आपको केवल एक फॉर्म भरना जरूरी होगा जिसे भरकर आप भविष्‍य निधि संगठन यानी EPFO के कार्यालय में जाकर जमा कर आएं।  यह प्रक्रिया थोड़ी लंबी है।  लेकिन EPFO के कार्यालय में आपका काम हो जाएगा। पैसे निकालने के लिए आपको जो फॉर्म भरना होगा वह आपको या तो ईपीएफओ के कार्यालय, आधिकारिक वेबसाइट से मिल जाएगा।  10 से 20 दिनों के भीतर आपके पीएफ अकाउंट  में पैसा आ जाएगा। पीएफ निकलने की प्रोसेस ऐसी होगी।  सबसे पहले आप EPFO की आधिकारिक वेबसाइट https://unifiedportal mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ पर जाना होगा।  इसके बाद आपको यहां अपना UAN नंबर, पासवर्ड और कैप्चा डालकर लॉग-इन करना होगा। लॉग इन हो जाने के बाद मैनेज के ऑप्‍शन पर क्लिक करें। KYC के विकल्‍प पर जाकर आप अपनी सारी जानकारी एक बार ठीक से चेक कर लें। अब आपको ऑनलाइन सर्विस पर क्लिक करना होगा, जहां आपके सामने एक ड्रॉप मेन्यू खुलेगा। इसमें से क्लेम  के विकल्‍प पर क्लिक करें।इसके बाद क्लेम फॉर्म को जमा करने के लिए Proceed For Online Claim के विकल्‍प पर क्लिक करें। ‘I Want To Apply For’ के ऑप्‍शन में जाएं। इसमें से full EPF Settlement, EPF Part withdrawal (loan/advance) या pension withdrawal के दिए हुए विकल्‍पों में से अपना एक चुनाव करें।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 November 2020

R BHARAT ARNAV GOSWAMI

  रिपब्लिक इडिया के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी के साथ हुई पुलिस ज्यादती हमारे देश की राजनीति के अत्यंत निम्न स्तर को प्रदर्शित करती है जहाaaWa अपसंस्कृति का बोलबाला साफ दिखाई दे रहा है। वास्तव में यह शासन के चौथे स्तंभ अर्थात मीडिया को ध्वस्त करने की कार्यवाही है जिसका लक्ष्य मीडिया की स्वतंत्रताए निष्पक्षता एवं निडरता को हमेशा हमेशा के लिए कुचल देना है। इसी क्रम में यदि हम थोड़ा पीछे चलें तो विगत माह राजस्थान के करौली जिले में एक मंदिर के पुजारी की जघन्य हत्या तथा हाथरस जिले में  तत्काल पूर्व की घटना में हुई एक लड़की की हत्या से उत्पन्न दुर्भाग्यपूर्ण परिदृश्य सभ्य समाज को हैरान तथा परेशान करने वाला है । जैसा कि साफ दिखाई दे रहा है कि करौली तथा हाथरस दोनों ही जगहों पर विभिन्न विपक्षी राजनीतिक दल न केवल अपनी राजनीति की रोटी सेकनें में लगे हुए हैं बल्कि इनमें संलिप्त दोषी अपराधियों को कानून की पकड़ से बचाने में भी सहयोग कर रहे हैं । ऐसा क्यों है कि इन दलों को मानवीय संवेदनाओं से कोई सरोकार नहीं है, विशेषतया जब कि किसी पीड़ित परिवार ने अपने एक प्रिय स्वजन खो दिया है । क्या इसी को राजनीति कहतें हैं ? यद्यपि हाथरस कांड की सच्चाई तो अभी पूरी प्रकट नहीं हुई है लेकिन एक विध्वंसक षडयंत्र का खुलासा जरूर हो गया है जिसका उद्दश्ेय, जैसा इलेक्ट्रानिक मीडिया में बताया गया, संपूर्ण देश में एक बार फिर गत वर्ष के अंत तथा इस वर्ष के प्रारंभ में हुये सी0 ए0 ए0 एवं एन0 आर0 सी0 विरोधी दंगो की भांति हिंसा एवं रक्तपात को भड़काना तथा समाज में अस्थिरता पैदा करना था । एक बहुत सोची समझी योजना के अंर्तगत देश में सक्रिय राष्ट्रविरोधी शक्तियों, जिन्हें मीडिया द्वारा टुकड़े-टुकड़े गैंग का नाम दिया गया है तथा जिनको देश के कुछ राजनीतिक दलों का वरदहस्त प्राप्त है, ने दिवंगत हाथरस पीड़िता के परिजनों को न्याय दिलाने के नाम पर एक दीर्घकालीन आंदोलन चलाने का कुचक्र तैयार किया था । ऐसे षडयंत्र को सफल तरीके से क्रियान्वित करने के लिए इसे गैंग ने अपने तथा विदेश में बैठे आकाओं के सहयोग से कई तैयारियाॅं की थीं जिसमें रातों रात वेबसाइट तैयार कर अनेक लिंकों के माध्यम से सभी संभावित दंगाईयों को एकजुट करना तथा देश के सभी प्रमुख स्थानों पर व्यापक दंगा, हिंसा तथा रक्तपात करवाना एवं इस कांड का अंर्तराष्ट्रीयकरण करके देश को विश्व के म्ंच पर बदनाम करना भी था । जिस तरीके से एकाएक संकीर्ण मानसिकता वाले कुछ राजनीतिक दल तथा उनका समर्थन प्राप्त अनेक षडयंत्रकारी संगठन एकजुट होकर केवल उत्तर प्रदेश सरकार को घेरने तथा अस्थिर करने के लिए रातदिन एक किये हुये थे, उसका उददेश्य दिवंगत पीड़िता के परिवार को न्याय दिलाना या शीलहरण जैसी जघन्य अपराधों को रोकना नहीं बल्कि अपने अधर में लटके राजनीतिक भविष्य की रक्षा करना था । इन देश विरोधी कार्यों के लिए धन एवं अन्यान्य सहायता विदेशी ताकतों द्वारा उपलब्ध भी कराई गई थी जो भारत की उभरती ताकत और साफ सुथरी छवि से बेहत आहत हैं । विशेषतया विगत कई दशकों से लंबित देश की कुछ जटिल समस्याऐं यथा तीन तलाक का मुददा, जम्मू एवं काश्मीर का विशेष दर्जा, तथा राम जन्म भूमि विवाद को जिस दृृढ़ इच्छाशक्ति एवं साहस का परिचय देते हुए देश के शासक-राजनीतिक दल तथा सर्वोच्च न्यायपालिका ने सुलझाया, उससे इन सभी देश विरोधी शक्तियों को भरपूर जवाब मिल चुका है ।  निसंदेह हाथरस कांड ने इन राष्ट्रविरोधी शक्तियों को एक उपयुक्त अवसर दिया है । यद्यपि इस घटना में अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि दिवंगत पीड़िता के साथ कोई ज्यादती हुई भी थी या नहीं या उसे किसने और क्यों मारा । परंतु इस टुकड़े-टुकड़े गैंग ने बिना किसी प्रमाण के शीलहरण का शोर मचाते हुए प्रदेश सरकार के खिलाफ धरना प्रर्दशन आदि शुरू कर दिया । ऐसे मामलों में इस गैंग की भेदभाव पूर्ण दृष्टि साफ दिखाई पड़ती है । हाथरस कांड के आसपास ही हुये प्रदेश के एक अन्य जिले बलरामपुर में एक समुदाय विशेष के कुछ लोगों ने काॅलेज से लौट रही एक छात्रा को अगवा कर उसका सामूहिक शीलहरण किया और उस निसहाय की अंततः मृत्यु भी हो गयी परंतु तब ये लोग मौन साधे रहे । विगत कई वर्षों से यह साफ दिखाई दे रहा है कि देश या विभिन्न प्रदेशों में विपक्षी राजनीतिक दलों का एकमात्र लक्ष्य सरकार का केवल विरोध करना ही रहता है भले ही सरकार चाहे कितना ही अच्छा काम क्यों न कर रही हो । निसंदेह यह शासन की जिम्मेदारी है कि वह अपराध पर कठोरतापूर्वक नकेल कसे तथा प्रत्येक व्यक्ति के जानमाल तथा संपत्ति की सुरक्षा अवश्य सुनिश्चित करे । परंतु भारत जैसे विशाल जनसंख्या एवं क्षेत्रफल वाले देश तथा उत्तर प्रदेश या राजस्थान जैसे बडे़ प्रदेशों में केवल सरकार, चाहे वह जिस राजनीतिक दल की हो, इस कार्य को अकेले नहीं कर सकती । तथापि ऐसे महत्वपूर्ण कार्य केे क्रियान्वयन में सरकारों का ईमानदारी भरा प्रयास अवश्य दिखना भी चाहिए जो आजकल विभिन्न राज्यों में समान रूप से नहीं दिखता है । इस अत्यंत महत्वपूर्ण एवं अतिआवश्यक कार्य में सभी राजनीतिक दलों के साथ देश के प्रत्येक नागरिक का पूर्ण सहयोेग एवं निष्ठा अपेक्षित है जिसका यहांॅं आज भी अभाव है, अन्यथा इस प्रकार से अपराधों की बाढ़ न आ जाती । देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में भारत शांतिपूर्ण तरीके से जिस तरह तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है उससे संपूर्ण विश्व अचंभित है परंतु इन राष्ट्रविरोधी शक्तियों को अच्छा नहीं लग रहा है । विश्व के सभी प्रमुख राष्ट्राध्यक्ष या शासनाध्यक्ष यथा अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एवं फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रान तथा आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्काॅट माॅरिसन, इसराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू एवं बिट्रेन के प्रधानमंत्री बोरिस जाॅन्सन आदि सभी प्रमुख नेतागण प्रधानमंत्री मोदी की कार्यशैली से अत्यंत प्रभावित हैं ा यह प्रधानमंत्री मोदी की विश्व में बढ़ती हुई लोकप्रियता की स्वीकारोक्ति ही है कि अनेक प्रमुख देश उन्हें अपने-अपने सर्वोच्च राजकीय सम्मान से सम्मानित कर चुके हैं । वर्तमान कोरोना की विश्वव्यापी महामारी के दौर में देश के प्रधानमंत्री ने जिस सूझ-बूझ का परिचय देते हुए सभी देशवासियों की सुरक्षा एवं उनके जीवन की मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु सारे व्यापक उपाय किए उसकी न केवल देश में बल्कि विश्व स्वास्थ्य संगठन जैसी वैश्विक संस्था तथा विभिन्न देशों द्वारा कई प्रमुख मंचों पर भूरि-भूरि प्रशंसा की गई । कोविड-19 के कठिन दौर में भी जब पड़ोसी देश चीन ने अत्यंत शर्मनाक विश्वासघात करते हुए भारत-चीन सीमा, (एल0 ए0 सी0) पर देश में अनेक स्थानों पर घुसपैठ करने की कोशिश की, जो एल0 ए0 सी0 पर लददाख तथा कुछ अन्य क्षेत्रों में अभी भी चल रही है, उसका सभी आवश्यक सैन्य तथा अन्य जरूरी तैयारियों के साथ अत्यंत साहसपूर्वक ढ़ंग से सामना करते हुए भारतीय सेना प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में बीजिंग को जिस तरह से मुॅंहतोड़ जवाब दे रही है उससे चीन बेहद परेशान हो चुका है तथा उसके कारण चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को न केवल विश्व में बल्कि अपने देश में भी विरोध का सामना करन पड़ रहा है । समग्रतः भारत की तेजी से स्थापित होती जा रही सशक्त पहचान देशविरोधी ताकतों के लिए एक बहुत बड़ी परेशानी का कारण बन चुकी है । अतः ये सब केवल मौके की तलाश में रहतें हैं कि कैसे भारत को एक बार पुनः अस्थिर तथा विखंडित किया जाए । आज संपूर्ण भारत यह जानता है कि लगभग सभी राजनीतिक दल अपराधियों को न केवल संरक्षण देते हैं बल्कि उनका निर्वाचन में अपनी विजय सुनिश्चित करने हेतु खुलेआम प्रयोग भी करते हैं । अतः राजनीति का अपराधीकरण, अपराधियों का राजनीतिकरण तथा संगठित अपराध आज देश तथा प्रदेश की राजनीति में एक दुखद सच्चाई बन चुका है । नतीजा स्पष्ट रूप से दिखाई पड़ रहा है कि देश की संसद तथा राज्य की विधानसभाओं में अनेक माननीय सांसद तथा विधानसभा सदस्य साफ सुथरी छवि से कासों दूर हैं क्योंकि उनके ऊपर संगीन आपराधिक मुकदमे चल रहे हैं । ऐसी दशा में इस प्रकार की जघन्य आपराधिक घटनाओं की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है और समाज में अशांति और असुरक्षा बढ़ती जा रही है ।  इस चिंताजनक परिस्थिति में स्वतंत्रत] निष्पक्ष एवं निडर पत्रकारिता निश्चय ही अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकती है। परंतु आज प्रेस की स्वतंत्रता पर इस प्रकार का कुठाराघात निसंदेह एक स्वस्थ्य एवं जीवंत लोकतंत्र के लिए  बड़े संकट की घड़ी है जब शासक वर्ग सत्ता के नशे में अपनी मर्यादा ही भूल जाए और समान्य जनता] जिनके वोटों की बैसाखी पर वह शासन कर रहा है] उनके मूल अधिकारों का अपने निजी स्वार्थों के लिए हनन करना शुरू कर दै। सत्ताधारियों का यह अहंकार हमेशा उनके विनाश का कारण बना है और ऐसा हर युग में हुआ है। रावण का उदाहरण आज हर किसी की जबान पर है। जैसे तानाशाही फिर से लौट आयी है और मुम्बई में आपातकाल  लगा दिया गया है। परंतु ऐसा होता नहीं है क्योंकि सत्य में बडी़ ताकत होती है और सच्चाई खुद बखुद सामने आ जाती है चाहे उसे छुपाने की कितनी भी कोशिश क्यों न की जाय। इतिहास गवाह है कि 1975 में देश की पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 इन्दिरा गांधी द्वारा आपातकाल लगा कर अपने विरोधियों का दमन करते हुए उन सबको जेल में ठूंसने का निर्णय उन्हें (श्रीमती गांधी) कितना भारी पड़ा था। अतः देश की जनता अर्थात हम भारत के लोग को जाति, धर्म, भाषा, समुदाय, क्षेत्र आदि जैसे संकीर्ण विचारों से ऊपर उठना चाहिए तथा देश एवं समाज के हित में पूरी ईमानदारी से दोहरे चरित्र वाले नेताओं तथा उनके द्वारा खड़ा किये गये राजनीतिक दलों को मुख्य धारा से किनारे कर देना चाहिये जिससे देश तथा राष्ट्रहित और मानव संस्कृति की रक्षा हो सके तथा समाज में शांति एवं सुरक्षा की स्थापना भी की जा सके । ऐसा हो सकता है क्योंकि मानव उद्यम से परे कुछ नहीaa होता है ।  

Patrakar प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी उ0 प्र0्र राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज, उ0प्र0

 प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी उ0 प्र0्र राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज, उ0प्र0   7 November 2020

R BHARAT ARNAV GOSWAMI

  रिपब्लिक इडिया के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी के साथ हुई पुलिस ज्यादती हमारे देश की राजनीति के अत्यंत निम्न स्तर को प्रदर्शित करती है जहाaaWa अपसंस्कृति का बोलबाला साफ दिखाई दे रहा है। वास्तव में यह शासन के चौथे स्तंभ अर्थात मीडिया को ध्वस्त करने की कार्यवाही है जिसका लक्ष्य मीडिया की स्वतंत्रताए निष्पक्षता एवं निडरता को हमेशा हमेशा के लिए कुचल देना है। इसी क्रम में यदि हम थोड़ा पीछे चलें तो विगत माह राजस्थान के करौली जिले में एक मंदिर के पुजारी की जघन्य हत्या तथा हाथरस जिले में  तत्काल पूर्व की घटना में हुई एक लड़की की हत्या से उत्पन्न दुर्भाग्यपूर्ण परिदृश्य सभ्य समाज को हैरान तथा परेशान करने वाला है । जैसा कि साफ दिखाई दे रहा है कि करौली तथा हाथरस दोनों ही जगहों पर विभिन्न विपक्षी राजनीतिक दल न केवल अपनी राजनीति की रोटी सेकनें में लगे हुए हैं बल्कि इनमें संलिप्त दोषी अपराधियों को कानून की पकड़ से बचाने में भी सहयोग कर रहे हैं । ऐसा क्यों है कि इन दलों को मानवीय संवेदनाओं से कोई सरोकार नहीं है, विशेषतया जब कि किसी पीड़ित परिवार ने अपने एक प्रिय स्वजन खो दिया है । क्या इसी को राजनीति कहतें हैं ? यद्यपि हाथरस कांड की सच्चाई तो अभी पूरी प्रकट नहीं हुई है लेकिन एक विध्वंसक षडयंत्र का खुलासा जरूर हो गया है जिसका उद्दश्ेय, जैसा इलेक्ट्रानिक मीडिया में बताया गया, संपूर्ण देश में एक बार फिर गत वर्ष के अंत तथा इस वर्ष के प्रारंभ में हुये सी0 ए0 ए0 एवं एन0 आर0 सी0 विरोधी दंगो की भांति हिंसा एवं रक्तपात को भड़काना तथा समाज में अस्थिरता पैदा करना था । एक बहुत सोची समझी योजना के अंर्तगत देश में सक्रिय राष्ट्रविरोधी शक्तियों, जिन्हें मीडिया द्वारा टुकड़े-टुकड़े गैंग का नाम दिया गया है तथा जिनको देश के कुछ राजनीतिक दलों का वरदहस्त प्राप्त है, ने दिवंगत हाथरस पीड़िता के परिजनों को न्याय दिलाने के नाम पर एक दीर्घकालीन आंदोलन चलाने का कुचक्र तैयार किया था । ऐसे षडयंत्र को सफल तरीके से क्रियान्वित करने के लिए इसे गैंग ने अपने तथा विदेश में बैठे आकाओं के सहयोग से कई तैयारियाॅं की थीं जिसमें रातों रात वेबसाइट तैयार कर अनेक लिंकों के माध्यम से सभी संभावित दंगाईयों को एकजुट करना तथा देश के सभी प्रमुख स्थानों पर व्यापक दंगा, हिंसा तथा रक्तपात करवाना एवं इस कांड का अंर्तराष्ट्रीयकरण करके देश को विश्व के म्ंच पर बदनाम करना भी था । जिस तरीके से एकाएक संकीर्ण मानसिकता वाले कुछ राजनीतिक दल तथा उनका समर्थन प्राप्त अनेक षडयंत्रकारी संगठन एकजुट होकर केवल उत्तर प्रदेश सरकार को घेरने तथा अस्थिर करने के लिए रातदिन एक किये हुये थे, उसका उददेश्य दिवंगत पीड़िता के परिवार को न्याय दिलाना या शीलहरण जैसी जघन्य अपराधों को रोकना नहीं बल्कि अपने अधर में लटके राजनीतिक भविष्य की रक्षा करना था । इन देश विरोधी कार्यों के लिए धन एवं अन्यान्य सहायता विदेशी ताकतों द्वारा उपलब्ध भी कराई गई थी जो भारत की उभरती ताकत और साफ सुथरी छवि से बेहत आहत हैं । विशेषतया विगत कई दशकों से लंबित देश की कुछ जटिल समस्याऐं यथा तीन तलाक का मुददा, जम्मू एवं काश्मीर का विशेष दर्जा, तथा राम जन्म भूमि विवाद को जिस दृृढ़ इच्छाशक्ति एवं साहस का परिचय देते हुए देश के शासक-राजनीतिक दल तथा सर्वोच्च न्यायपालिका ने सुलझाया, उससे इन सभी देश विरोधी शक्तियों को भरपूर जवाब मिल चुका है ।  निसंदेह हाथरस कांड ने इन राष्ट्रविरोधी शक्तियों को एक उपयुक्त अवसर दिया है । यद्यपि इस घटना में अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि दिवंगत पीड़िता के साथ कोई ज्यादती हुई भी थी या नहीं या उसे किसने और क्यों मारा । परंतु इस टुकड़े-टुकड़े गैंग ने बिना किसी प्रमाण के शीलहरण का शोर मचाते हुए प्रदेश सरकार के खिलाफ धरना प्रर्दशन आदि शुरू कर दिया । ऐसे मामलों में इस गैंग की भेदभाव पूर्ण दृष्टि साफ दिखाई पड़ती है । हाथरस कांड के आसपास ही हुये प्रदेश के एक अन्य जिले बलरामपुर में एक समुदाय विशेष के कुछ लोगों ने काॅलेज से लौट रही एक छात्रा को अगवा कर उसका सामूहिक शीलहरण किया और उस निसहाय की अंततः मृत्यु भी हो गयी परंतु तब ये लोग मौन साधे रहे । विगत कई वर्षों से यह साफ दिखाई दे रहा है कि देश या विभिन्न प्रदेशों में विपक्षी राजनीतिक दलों का एकमात्र लक्ष्य सरकार का केवल विरोध करना ही रहता है भले ही सरकार चाहे कितना ही अच्छा काम क्यों न कर रही हो । निसंदेह यह शासन की जिम्मेदारी है कि वह अपराध पर कठोरतापूर्वक नकेल कसे तथा प्रत्येक व्यक्ति के जानमाल तथा संपत्ति की सुरक्षा अवश्य सुनिश्चित करे । परंतु भारत जैसे विशाल जनसंख्या एवं क्षेत्रफल वाले देश तथा उत्तर प्रदेश या राजस्थान जैसे बडे़ प्रदेशों में केवल सरकार, चाहे वह जिस राजनीतिक दल की हो, इस कार्य को अकेले नहीं कर सकती । तथापि ऐसे महत्वपूर्ण कार्य केे क्रियान्वयन में सरकारों का ईमानदारी भरा प्रयास अवश्य दिखना भी चाहिए जो आजकल विभिन्न राज्यों में समान रूप से नहीं दिखता है । इस अत्यंत महत्वपूर्ण एवं अतिआवश्यक कार्य में सभी राजनीतिक दलों के साथ देश के प्रत्येक नागरिक का पूर्ण सहयोेग एवं निष्ठा अपेक्षित है जिसका यहांॅं आज भी अभाव है, अन्यथा इस प्रकार से अपराधों की बाढ़ न आ जाती । देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में भारत शांतिपूर्ण तरीके से जिस तरह तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है उससे संपूर्ण विश्व अचंभित है परंतु इन राष्ट्रविरोधी शक्तियों को अच्छा नहीं लग रहा है । विश्व के सभी प्रमुख राष्ट्राध्यक्ष या शासनाध्यक्ष यथा अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एवं फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रान तथा आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्काॅट माॅरिसन, इसराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू एवं बिट्रेन के प्रधानमंत्री बोरिस जाॅन्सन आदि सभी प्रमुख नेतागण प्रधानमंत्री मोदी की कार्यशैली से अत्यंत प्रभावित हैं ा यह प्रधानमंत्री मोदी की विश्व में बढ़ती हुई लोकप्रियता की स्वीकारोक्ति ही है कि अनेक प्रमुख देश उन्हें अपने-अपने सर्वोच्च राजकीय सम्मान से सम्मानित कर चुके हैं । वर्तमान कोरोना की विश्वव्यापी महामारी के दौर में देश के प्रधानमंत्री ने जिस सूझ-बूझ का परिचय देते हुए सभी देशवासियों की सुरक्षा एवं उनके जीवन की मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु सारे व्यापक उपाय किए उसकी न केवल देश में बल्कि विश्व स्वास्थ्य संगठन जैसी वैश्विक संस्था तथा विभिन्न देशों द्वारा कई प्रमुख मंचों पर भूरि-भूरि प्रशंसा की गई । कोविड-19 के कठिन दौर में भी जब पड़ोसी देश चीन ने अत्यंत शर्मनाक विश्वासघात करते हुए भारत-चीन सीमा, (एल0 ए0 सी0) पर देश में अनेक स्थानों पर घुसपैठ करने की कोशिश की, जो एल0 ए0 सी0 पर लददाख तथा कुछ अन्य क्षेत्रों में अभी भी चल रही है, उसका सभी आवश्यक सैन्य तथा अन्य जरूरी तैयारियों के साथ अत्यंत साहसपूर्वक ढ़ंग से सामना करते हुए भारतीय सेना प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में बीजिंग को जिस तरह से मुॅंहतोड़ जवाब दे रही है उससे चीन बेहद परेशान हो चुका है तथा उसके कारण चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को न केवल विश्व में बल्कि अपने देश में भी विरोध का सामना करन पड़ रहा है । समग्रतः भारत की तेजी से स्थापित होती जा रही सशक्त पहचान देशविरोधी ताकतों के लिए एक बहुत बड़ी परेशानी का कारण बन चुकी है । अतः ये सब केवल मौके की तलाश में रहतें हैं कि कैसे भारत को एक बार पुनः अस्थिर तथा विखंडित किया जाए । आज संपूर्ण भारत यह जानता है कि लगभग सभी राजनीतिक दल अपराधियों को न केवल संरक्षण देते हैं बल्कि उनका निर्वाचन में अपनी विजय सुनिश्चित करने हेतु खुलेआम प्रयोग भी करते हैं । अतः राजनीति का अपराधीकरण, अपराधियों का राजनीतिकरण तथा संगठित अपराध आज देश तथा प्रदेश की राजनीति में एक दुखद सच्चाई बन चुका है । नतीजा स्पष्ट रूप से दिखाई पड़ रहा है कि देश की संसद तथा राज्य की विधानसभाओं में अनेक माननीय सांसद तथा विधानसभा सदस्य साफ सुथरी छवि से कासों दूर हैं क्योंकि उनके ऊपर संगीन आपराधिक मुकदमे चल रहे हैं । ऐसी दशा में इस प्रकार की जघन्य आपराधिक घटनाओं की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है और समाज में अशांति और असुरक्षा बढ़ती जा रही है ।  इस चिंताजनक परिस्थिति में स्वतंत्रत] निष्पक्ष एवं निडर पत्रकारिता निश्चय ही अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकती है। परंतु आज प्रेस की स्वतंत्रता पर इस प्रकार का कुठाराघात निसंदेह एक स्वस्थ्य एवं जीवंत लोकतंत्र के लिए  बड़े संकट की घड़ी है जब शासक वर्ग सत्ता के नशे में अपनी मर्यादा ही भूल जाए और समान्य जनता] जिनके वोटों की बैसाखी पर वह शासन कर रहा है] उनके मूल अधिकारों का अपने निजी स्वार्थों के लिए हनन करना शुरू कर दै। सत्ताधारियों का यह अहंकार हमेशा उनके विनाश का कारण बना है और ऐसा हर युग में हुआ है। रावण का उदाहरण आज हर किसी की जबान पर है। जैसे तानाशाही फिर से लौट आयी है और मुम्बई में आपातकाल  लगा दिया गया है। परंतु ऐसा होता नहीं है क्योंकि सत्य में बडी़ ताकत होती है और सच्चाई खुद बखुद सामने आ जाती है चाहे उसे छुपाने की कितनी भी कोशिश क्यों न की जाय। इतिहास गवाह है कि 1975 में देश की पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 इन्दिरा गांधी द्वारा आपातकाल लगा कर अपने विरोधियों का दमन करते हुए उन सबको जेल में ठूंसने का निर्णय उन्हें (श्रीमती गांधी) कितना भारी पड़ा था। अतः देश की जनता अर्थात हम भारत के लोग को जाति, धर्म, भाषा, समुदाय, क्षेत्र आदि जैसे संकीर्ण विचारों से ऊपर उठना चाहिए तथा देश एवं समाज के हित में पूरी ईमानदारी से दोहरे चरित्र वाले नेताओं तथा उनके द्वारा खड़ा किये गये राजनीतिक दलों को मुख्य धारा से किनारे कर देना चाहिये जिससे देश तथा राष्ट्रहित और मानव संस्कृति की रक्षा हो सके तथा समाज में शांति एवं सुरक्षा की स्थापना भी की जा सके । ऐसा हो सकता है क्योंकि मानव उद्यम से परे कुछ नहीaa होता है ।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 November 2020

  Congress Mobile Ben

चुनाव अधिकारी के मोबाइल उपयोग पर लगे रोक   सत्ता का भविष्य तय करने वाले 28 विधानसभा सीटों के उपचुनाव की मतगणना को लेकर कांग्रेस किसी प्रकार का जोखिम नहीं उठाना चाहती  | कोंग्रस ने  मतदान में अधिकारियों के पक्षपाती रवैये को लेकर मतगणना में स्पष्ट व्यवस्था बनाने की मांग चुनाव आयोग से की है और चुनाव अधिकारी के मतगणना के दौरान मोबाइल उपयोग को प्रतिबंधित करने की मांग की है  |  अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने आयोग को दिए ज्ञापन में चुनाव अधिकारियों के मोबाइल उपयोग पर प्रतिबंध लगाने के साथ डाक मतपत्र और ईवीएम की सुरक्षा, मतगणना की लाइव रिकार्डिंग और परिणाम की घोषणा बड़ी स्क्रीन पर दिखाने के साथ पांच ईवीएम के मतों का मिलान वीवीपैट से करने का मुद्दा उठाया है  | कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल, दिग्विजय सिंह, विवेक तनखा और मुकुल वासनिक की ओर से चुनाव आयोग को ज्ञापन दिया गया है कि मतगणना व्यवस्था को चाकचौबंद किया जाए |  कांग्रेस की माँगा है कि डाक मतपत्र और इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन की सुरक्षा व्यवस्था को सख्त रखा जाए |  जिस तरह मतदान को लेकर स्पष्ट गाइडलाइन जारी की गई थी, वैसी ही मतगणना को लेकर जारी की जाए  | उम्मीदवार को मतगणना के लिए लाई जाने वाली वोटिंग मशीन की जांच करने की अनुमति दी जाए और उसकी संतुष्टि को रिकॉर्ड किया जाए  | हर मतगणना चक्र के परिणाम का सत्यापित प्रपत्र दिया जाए  | वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से कांग्रेस के नेताओं ने चुनाव आयोग के साथ संवाद किया  | इस दौरान दिग्विजय सिंह और विवेक तनखा ने मतगणना की व्यवस्था को लेकर मुद्दे उठाए | साथ मतदान के दिन जौरा और सुमावली में  हिंसा और पुलिस के दुरुपयोग की बात उठाते हुए कहा कि मतगणना के दिन ऐसी स्थिति न बने  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 November 2020

nikita tomar hatyakand

  निकिता तोमर हत्याकांड ने समाज में बढ़ती असहनशीलता एवं अपराध करने वालों के बुलन्द हौसले को एक बार फिर उजागर किया है। जिस तरह से दो युवकों ने योजना बनाकर एक लड़की को बल्लभगढ़ में उसके कालेज के समीप ही सड़क पर दिनदहाडे़ कार में उठा ले जाने का प्रयास किया जिसमें असफल होने पर उन दोनों में से एक ने उस लड़की की गोली मार कर हत्या कर दी; यह अत्यंत विचलित करने तथा दिल दहला देने वाली घटना है। आज जबकि बड़े शहरों में सभी प्रमुख स्थानों पर सी0 सी0 टी0 वी0 लगा है जिसमें प्रत्येक घटना रिकार्ड हो जाती है तथा दिन में लोगों की आवा जाही लगी रहती है, इसके बावजूद ऐसी भयावह और जघन्य हत्या हो जा रही है तो सामान्य जनमानस, विशेष रूप से लड़कियाॅं और महिलाएॅं, कैसे सुरक्षित और जिन्दा रहेगें और चैन की सांस ले सकेगें।  इस घटना में पुलिस की लापरवाही विशेष रूप से निकल कर सामने आ रही है क्योंकि इसी अपराधी युवक ने दो वर्ष पूर्व निकिता का अपहरण किया जिसमें उसके घरवालों द्वारा मुकदमा दर्ज कराये जाने पर पुलिस द्वारा निकिता को तो इस अपराधी के चंगुल से छुड़ा लिया गया था, लेकिन इस अपराधी के खिलाफ कार्यवाही इसलिये नहीं हुई थी क्योंकि निकिता तथा युवक के घरवालों के बीच आपसी सुलह हो गई थी और निकिता के घरवालों द्वारा मुकदमा वापस ले लिया था। जबकि ऐसा नहीं होना चाहिये था चूंकि किसी अपराधी केे द्वारा किया गया अपराध अन्ततोगत्वा संप्रभु राज्य निर्मित कानून का उल्लंघन है जिसको केवल राज्य ही क्षमा का सकता है। कानून के अनुसार पीड़ित पक्ष के सुलह कर लेने से अपराध का दण्ड समाप्त नहीं हो जाता है तथा अपराधी को अपने किये अपराध का दण्ड अवश्य ही भुगतना पड़ता है। इस केस में चूंकि अपराधी एक रसूखदार विधायक का निकट संबधी है तथा घर के अन्य वरिष्ठ जन भी नेता आदि हैं जिनके दबाव एवं प्रभाव से निकिता के अपहरण मामले को पुलिस ने रफा दफा करवा दिया था। आज उसके भयानक परिणामस्वरूप निकिता को अपनी जान गवाॅंना पड़ा है। यदि उसी समय इस अपराधी युवक को निकिता के अपहरण मामले में कानून के अनुसार दंड दिलवाया गया होता तो आज ऐसी भयावह घटना शायद न होती। इस प्रकरण में एक दूसरा पक्ष लव जिहाद का भी प्रतीत हो रहा है जिसके अन्तर्गत मुसलमान युवकों द्वारा हिन्दू लड़कियों को बहला फुसला कर या दबाव डाल कर या आखिर में अपहरण करके उनसे जबर्दस्ती विवाह कर लिया जाता है। हालांकि निकिता हत्याकांड में इस अपराधी युवक तौसीफ के घरवालों ने इस मामले को लव जिहाद मानने से इन्कार किया है तथा इस युवक को इनोसेंट गताया।    इस अत्यंत दुखद और शर्मनाक घटना से कई तथ्य सामने उभर कर आ रहें हैंः आजकल के नवयुवकों में इस प्रकार की आपराधिक सोच या मानसिकता क्यों बढ़ती जा रही है। उनके अन्दर हिंसा की भावना अधिक से अध्ेिाक प्रभावी स्थान क्यों बना चुकी है। छोटी छोटी बातों पर लड़ना तथा हिंसा एवं रक्तपात करना उनका सामान्य स्वभाव क्यों बन चुका है। ऐसी हालत में समाज  में शांति और सुरक्षा की स्थापना केसै हो सकती है। क्या यह शिक्षा-दीक्षा का दोष  है या पालन-पोषण की कमी है या समाज में विभिन्न कारणों, विशेषतया उपभोक्तावादी संस्कृति, से बढ़ती अश्लीलता और अपराध का प्रदर्शन है। वस्तुतः उपरोक्त सभी कारणों के साथ ही राजनीति का तेजी से गिरता स्तर भी एक महत्वपूर्ण कारण है जिसके फलस्वरूप इस प्रकार की घटनाएॅं बारंबार घटित हो रहीं हैं।    आज देश संपूर्ण देश यह जानता है कि लगभग सभी राजनीतिक दल अपराधियों को न केवल संरक्षण देते हैं बल्कि उनका निर्वाचन में अपनी विजय सुनिश्चित करने हेतु खुलेआम प्रयोग भी करते हैं । अतः राजनीति का अपराधीकरण, अपराधियों का राजनीतिकरण तथा संगठित अपराध आज देश तथा प्रदेश की राजनीति में एक दुखद सच्चाई बन चुका है। नतीजा स्पष्ट रूप से दिखाई पड़ रहा है कि देश की संसद तथा राज्य की विधानसभाओं में अनेकों माननीय सांसद तथा विधानसभा सदस्य दागी हैं और उनके ऊपर संगीन आपराधिक मुकदमे भी कायम हैं । ऐसी दशा में राजनीतिक दलों के दोहरे चरित्र के कारण ही इस प्रकार की जघन्य आपराधिक घटनाओं की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है और समाज में अशांति और असुरक्षा बढ़ती जा रही है ।   अतः ऐसे भयावह एवं अपसंस्कृति को बढ़ाने वाले परिदृश्य में देश के समस्त विवेकशील एवं कर्तव्य परायण जनता को ऐसे राजनीतिक दलों के राष्ट्रविरोधी कुकृत्यों को समझना चाहिये तथा उनका पुरजोर विरोध करना चाहिये क्योंकि इन राजनीतिक दलों का लक्ष्य देश या समाज का हित नहीं है बल्कि अपने निहित तुच्छ स्वार्थों का पोषण करना मात्र ही है । इसलिये देश की जनता अर्थात हम भारत के लोग को जाति, धर्म, भाषा, समुदाय, क्षेत्र आदि जैसे संकीर्ण विचारों से ऊपर उठना चाहिए तथा देश एवं समाज के हित में ऐसे दोहरे चरित्र वाले राजनीतिक दलों को और ऐसे दागी नेताओं को अलग-थलग अवश्य करना चाहिये जिससे राष्ट्रहित और मानव संस्कृति की रक्षा हो सके तथा समाज में शांति एवं सुरक्षा की स्थापना भी की जा सके । विशेष रूप से नारी जाति के सम्मान की रक्षा अवश्य होनी चाहिए,   जैसा प्राचीन भारतीय शास्त्रों में उल्लिखित है -                      यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः ।                      यत्र नार्यस्तु पीड्यन्ते तत्र सर्वाऽफलाः क्रियाः ।।                                                                                                                                                                                   ऐसा किया जा सकता है क्योंकि मानव उद्यम से परे कुछ नहीे होता है ।   प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी उ0 प्र0्र राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज, उ0प्र0 ।

Patrakar प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी उ0 प्र0्र राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज, उ0प्र0

 प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी उ0 प्र0्र राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज, उ0प्र0   5 November 2020

atankvad

  नोगोर्नो-कराबाख को लेकर आर्मेनिया और अजरबैजान के बीच पिछले पाॅंच सप्ताह से चल रहा भीषण युद्ध अब ऐसे मुकाम पर पहुॅंच गया है जहाॅं से दोनों लड़ने वाले देश अब वापस लौटने की स्थिति में दिखाई नहीं पड़ रहे हैं। दोनों के बीच युद्ध विराम कई बार कराया गया लेकिन वह चंद मिनट ही टिक नहीं सका। कारण स्पष्ट हैः चुंकि तुर्की, पाकिस्तान तथा इसराइल द्वारा अजरबैजान को दिये जा रहे खुले समर्थन के कारण जहाॅं ताकतवर पश्चिमी देश जैसे रूस, फ्रांस, इटली, जर्मनी आदि आर्मेनिया के पक्ष में लामबंद हो रहे हैं तो वहीं अजरबैजान की ओर प्रमुख मुस्लिम देश यथा सीरिया, ईरान, कुवैत, सूडान आदि तुर्की की अगुआई में संगठित हो कर समस्या को विकराल रूप दे रहे हैं।  दुर्भाग्यवश इस्लामिक आतंकवादियों का प्रयोग सीरिया के सहयोग से अजरबैजान के पक्ष में किया जा रहा है जिस कारण यह समस्या और भी विकराल हो चुकी है। इस युद्ध में आई0 एस0 आई0 एस0 आंतकवादियों के कूद पड़ने से जहां एक तरफ विश्व के अन्य आंतकवादी संगठनों के विभिन्न कारणों से शामिल होने का मार्ग खुल जायेगा तो वहीं दूसरी तरफ कूटनीतिक तरीके से दोनों युद्धरत देशों के बीच विवाद का तात्कालिक या स्थायी समाधन खोजना और भी कठिन हो जायेगा। चूंकि आंतकवादियों, विशेषकर इस्लामिक चरमपंथियों का, एक मात्र लक्ष्य अशांति को ज्यादा से ज्यादा बढ़ाना और शांतिप्रिय सभ्य समाज को भयभीत करके अपना निहित स्वार्थ हासिल करना ही रहता है, ऐसी दशा में इस विवाद का शांतिपूर्ण हल निकलना लगभग असंभव हो जायेगा।  आतंकवादियों के साथ ही साथ विश्व की विभिन्न शक्तियाॅं या महाशक्तियाॅं भी अपने अपने निहित स्वार्थों को इस युद्ध के चलते पूरा करना चाहती हैं। जहाॅं तुर्की के तानाशाह राष्ट्रपति अर्दोगन वैश्विक मुस्लिम समाज के मुखिया अर्थात खलीफा बनना चाहते हैं तो वहीं इजराइल तथा कुछ अन्य शक्तियाॅं इस युद्ध से अपना शस्त्र-व्यापार बढ़ाना चाहते हंै क्योंकि यह वैश्विक व्यापार जगत में अत्यंत लाभप्रद सौदा है। यहाॅं तुर्की का एक अन्य राष्ट्रीय हित भी है जो उसकी खनिज तेल की आवश्यकता से जुड़ा है और इसकी मुख्य आपूर्ति अजरबैजान से होती है। अतः अर्दाेगन मुस्लिम समाज की एकजुटता तथा अपने आर्थिक हितों की निर्बाध पूर्ति को ध्यान में रखते हुए इस संकट से अपना हित साधना चाहते हैं। यद्यपि अजरबैजान से इस तेल की सप्लाई रूस को भी होती है जिसमें तुर्की बाधा डालने का प्रयास कर रहा है।  ऐसी भयावह स्थिति में यदि इस युद्ध को तुरंत रोका नहीं जाता तो जल्दी ही अन्य शक्तियाॅं और महाशक्तियाॅं भी अपने अपने कारणों से इसमें शामिल होने लगेगीं जिसके फलस्वरूप यह विवाद मात्र दो देशों तक या ट्रांसकाॅकेशियन क्षेत्र तक ही सीमित नहीं रह सकेगा बल्कि शायद संपूर्ण विश्व में फैल जायेगा। अतः विश्व के सभी शांतिप्रिय देशों को तुरन्त ही दोनों युद्धरत देशों से शांति बहाल करने करने की सामूहिक अपील करना चाहिए तथा संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद के द्वारा अविलम्ब एक प्रभावी युद्धविराम लागू करवाने के लिए आपस में सहयोग करना चाहिये।  यह अत्यंत आवश्यक इसलिए है क्योंकि इस युद्ध के आगे बढ़ने से लगभग सभी मुस्लिम देश, विशेषकर मध्य एशिया के देश, आपसी मतभेदों को भुलाकर इस्लामिक एकता के नाम पर एकजुट हो सकते हैं और इस लड़ाई को मुस्लिम एवं ईसाई के बीच युद्ध मानते हुए इसे दो सभ्यताओं के संघर्ष का रूप दे सकते हैं जिसकी परिणति तीसरे विश्वयुद्ध के रूप में हो सकती है। यह एक बड़ी दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति होगी क्योंकि ऐसे विश्वयुद्ध में परमाणु शस्त्रों का प्रयोग हो सकता है और इनकेे प्रयोग किये जाने से वैश्विक मानवता का एक बहुत बड़ा हिस्सा नष्ट हो जायेगा, हालांकि खतरा एक प्रकार से संपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय समाज पर ही है।  आज संपूर्ण विश्व जबकि कोरोना जैसी महामारी के संकट से बुरी तरह जूझ रहा है, ऐसे में आर्मेनिया और अजरबैजान के बीच चल रहे युद्ध के कारण उत्पन्न परमाणु शस्त्रों के प्रयोग का मंडराता खतरा वैश्विक मानवता, पर्यावरण तथा जैवविविधता के संरक्षण के प्रश्न पर एक बहुत बड़ी चुनौती पैदा कर सकता है। अतः इस युद्ध को रोकने का अविलम्ब प्रयत्न समूचे विश्व को करना चाहिए जिससे ऐसी संभावित त्रासदी से संपूर्ण मानवता तथा प्रकृति की रक्षा हो सके। ऐसा हो सकता है क्योंकि मानव उद्यम से परे कुछ नहीे होता है । लेखक  प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी  उ0 प्र0्र राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज, उ0प्र0 ।

Patrakar प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी उ0 प्र0्र राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज, उ0प्र0

 प्रो0 सुधांशु त्रिपाठी उ0 प्र0्र राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज, उ0प्र0   5 November 2020

  Metro train

शीघ्र ही इसका काम शुरू होगा   सरकार की योजना के अनुसार जल्द ही छोटे शहरों में अब मेट्रो ट्रेन दौड़ेगी।  छोटे शहरों के लिए न्यू मेट्रो योजना को रेलवे बोर्ड की अनुमति मिल गई है।मेट्रो रेल अब सिर्फ बड़े शहरों तक ही सीमित नहीं रह जाएगी।केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय ने कहा कि छोटे शहरों में मेट्रो चलने से लोगों को आवागमन में सुविधा मिलेगी। और  शहरों की छवि भी सुधरेगी। उन्होंने कहा कि इस समय देश के 18 शहरों में 700 किमी लंबा मेट्रो नेटवर्क है, जबकि 27 शहरों में 900 किलोमीटर ट्रैक बन रहा है। इस तरह मेट्रो ट्रेन का 1600 किलोमीटर का ट्रैक हो जाएगा। अगले साल तक कानपुर मेट्रो का संचालन शुरू हो जाएगा। जहां मेट्रो चल रही है, वहां प्रदूषण नियंत्रण में मदद मिली है। एक किलोमीटर ट्रैक पर 60 करोड़ रुपये खर्च होंगे। उन्होंने बताया कि लखनऊ में करीब 23 किलोमीटर ट्रैक का काम जारी है। आगरा में 32 किलोमीटर ट्रैक की अनुमति मिल चुकी है और शीघ्र ही इसका काम शुरू होगा।  मेरठ-दिल्ली के बीच दिसंबर 2022 से मेट्रो शुरू हो जाएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 November 2020

   Domestic LPG

व्यावसायिक गैस सिलेंडर के दाम में  78  रुपए बढ़ेंगे     1-सरकारी तेल कंपनियों ने घरेलू रसोई गैस उपभोक्ताओं को राहत देने का फैसला किया है। तेल कंपनियों ने नवंबर महीने के लिए  दामों में कोई बदलाव नहीं कर उपभोक्ताओं को दिवाली का तोहफा दिया है। गौरतलब है की  अक्टूबर महीने में भी रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में कोई बदलाव नहीं किया गया था। लेकिन व्यावसायिक गैस सिलेंडर के दाम में  78 रुपए तक की बढ़ोतरी हुई  है। मुंबई और कोलकाता में भी इसके दाम में 76 रुपए का इजाफा हुआ है। मुंबई में अब यह 1198.50 और कोलकाता में 1296 रुपए में मिलेगा। इससे पहले जुलाई में 14 किलोग्राम LPG Cylinder का दाम 4 रुपए तक बढ़ाया गया था। वहीं, इसी साल जून के दौरान दिल्ली में 14.2 किलोग्राम वाले गैर-सब्सिडाइज्डी एलपीजी सिलेंडर 11.50 रुपए महंगा हो गया था, जबकि मई में 162.50 रुपए तक सस्ता हुआ था।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 November 2020

 kamalnath

मध्यप्रदेश में विकास का  नया नक्शा बनाएंगे   पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मध्यप्रदेश के स्थापना दिवस पर सभी प्रदेश वासियों को बधाई दी  | और कहा सबका सपना है की मध्य प्रदेश में विकास का एक नया इतिहास लिखे |  एक नवम्बर को मध्य प्रदेश के स्थापना दिवस के मौके पर पूर्व मुख्य मंत्री कमलनाथ से सभी प्रदेश वासियों को शुभकामनाएं  दी |  इस दौरान उन्होंने कहा मध्य प्रदेश में विकास का एक नया नक्शा बने  | एक नया इतिहास रचा जाए |  उन्होंने कहा हम प्रदेश के नौजवान , किसान सहित सबका भविष्य बनाएंगे और इसको सुरक्षित रखेंगे  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 November 2020

 Corona epidemic

30 नवंबर तक सख्ती लागू रहेगी मास्क लगाना और शारीरिक दूरी का पालन अनिवार्य   कोरोना महामारी की पाबंदियों के बीच आम आदमी को राहत देते हुए अनलॉक 5  में मंदिर और सिनेमाघर खोलने की अनुमति दी गई थी। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए स्पष्ट निर्देश दिए गए थे। मास्क लगाना और शारीरिक दूरी का पालन अनिवार्य किया गया। केंद्रीय गृह मंत्रालय से जारी निर्देशों के अनुसार,अनलॉक 5.0 की गाइडलाइन अब 30 नवंबर तक लागू रहेगी। देश में विभिन्न सेवाओं को बहाल करने वाली यह गाइडलाइन 30 सितंबर को जारी की गई थी। इसके तहत सिनेमा घरों को खोलने का बड़ा फैसला हुआ था। साथ ही जहां कोरोना महामारी के केस कम हैं, वहां राज्यों को स्कूल खोलने की अनुमति दी गई थी। इसके बाद ही उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब ने स्कूल खोलने का फैसला किया था। गृह मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी आदेश के अनुसार, जिन क्षेत्रों में कोरोना के केस लगातार सामने आ रहे हैं, वहां 30 नवंबर तक सख्ती लागू रहेगी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 October 2020

   Ayushman Sahakar Yojana

स्वास्थ्य सेवा के के लिए ब्लूप्रिंट तैयार       केंद्र सरकार ने गांवों में स्वास्थ्य सेवा को बेहतर बनाने के लिए  बड़ा कदम उठाया है। कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय ने आयुष्मान सहकार योजना की शुरुआत की है।   स्वायत्त विकास वित्त संस्थान राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम ने सहकारी समितियों द्वारा देश में स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए ब्लूप्रिंट तैयार किया है। केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री परोत्तम रूपाला ने कहा की , आने वाले वर्षों में एनसीडीसी 10000 करोड़ रुपए तक का ऋण मुहैया कराएगा। इस आर्थिक सहायता से सहकारी संस्थाएं भी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल खोल पाएंगी। केंद्र द्वारा किए जाने वाले किसान कल्याण क्रियाकलापों को मजबूत करने की दिशा में यह योजना सहायक होगी।  बताया जा रहा देश में 52 के करीब अस्पताल सहकारी समितियों द्वारा संचालित  हैं।  जहां बिस्तरों की संख्या 5,000 से अधिक है। एनसीडीसी की योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति स्वास्थ्य प्रणालियों को आकार देने के उद्देश्य से स्वास्थ्य में निवेश, स्वास्थ्य सेवाओं के संगठन, प्रौद्योगिकियों तक पहुंच, मानव संसाधन का विकास करने, चिकित्सा बहुलवाद को प्रोत्साहित करने, किसानों को सस्ती स्वास्थ्य देखभाल इत्यादि को सम्मिलित करती है। इसका स्वरूप- अस्पतालों, स्वास्थ्य सेवा, चिकित्सा शिक्षा, नर्सिंग शिक्षा, पैरामेडिकल शिक्षा, स्वास्थ्य बीमा एवं समग्र स्वास्थ्य प्रणालियों के साथ है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 October 2020

 Narendra Singh Tomar

ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा में समरस हो जाएंगे   केंद्रीय मंत्री, नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा अगर कमलनाथ राहुल गांधी की बात नहीं मानते हैं तो राहुल गाँधी को कमलनाथ पर कार्यवाही करना चाहिए  | तोमर ने कहा सिंधिया बीजेपी में आये हैं  वो हमारी परंपराओं से, क्रियाओं से, पद्धति से परिचित हो रहे हैं  | जल्दी वः सब में समरस हो जायेंगे  |  केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने  कमलनाथ और राहुल गाँधी के मसले पर कहा राहुल गांधी ने दिल से माफी मांगने की बात नहीं कही है  |   राहुल गांधी दो पक्षीय बातें कर रहे हैं  | अगर सच में राहुल गांधी ने कमलनाथ को माफी मांगने को कहा है और  कमलनाथ राष्ट्रीय नेता की बात नहीं मान रहे हैं तो राहुल गांधी को कमलनाथ पर कार्यवाही करना चाहिए  | तोमर ने कहा भारतीय जनता पार्टी चुनाव आयोग ओर न्यायालय में भरोसा करने वाला राजनीतिक दल है  |  चुनाव आयोग का कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए जो निर्णय है निश्चित रूप से को सभी को उसके नियमों का करना चाहिए  |  सिंधिया को लेकर उन्होंने कहा व्यक्ति निर्माण की प्रक्रिया की गति हमेशा धीमी रहती है  | सिंधिया जी आए हैं  |  भारतीय जनता पार्टी विचार आधारित, कार्यकर्ता आधारित दल है  | वह हमारी परंपराओं से, क्रियाओं से, पद्धति से परिचित हो रहे हैं और मुझे पूरी आशा है कि वह भारतीय जनता पार्टी में समरस होंगे   |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 October 2020

  Narendra Modi

कोरोना में भारत ने अच्छा कार्य किया ,लेकिन सावधानी जरूरी  लापरवाही ना बरतें , मास्क और दो गज दूरी का पालन करें         प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश  को संबोधित करते हुए कहा की त्योहारों का सीजन आ रहा है और हमें पूरी सावधानी बरतना है।  उन्होंने कहा  कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। पीएम ने कहा कि हमने लंबा सफर तय किया है। समय के साथ आर्थिक गतिविधियां भी तेजी से बढ़ रही हैं। हम में से अधिकांश लोग, अपनी जिम्मेदारियों को निभाने के लिए, फिर से जीवन को गति देने के लिए, रोज घरों से बाहर निकल रहे हैं। त्योहारों के इस मौसम में बाजारों में भी रौनक धीरे-धीरे लौट रही है, लेकिन हमें ये भूलना नहीं है कि लॉकडाउन भले चला गया हो, वायरस नहीं गया है। बीते 7-8 महीनों में, प्रत्येक भारतीय के प्रयास से, भारत आज जिस संभली हुई स्थिति में हैं, हमें उसे बिगड़ने नहीं देना है। मोदी ने कहा आज देश में रिकवरी रेट अच्छी है। मृत्यु दर  कम है। दुनिया के साधन-संपन्न देशों की तुलना में भारत अपने ज्यादा से ज्यादा नागरिकों का जीवन बचाने में सफल हो रहा है। कोविड महामारी के खिलाफ लड़ाई में टेस्ट की बढ़ती संख्या हमारी एक बड़ी ताकत रही है। सेवा परमो धर्म: के मंत्र पर चलते हुए हमारे डॉक्टर्स , नर्सेस , हेल्थ वर्कर्स  इतनी बड़ी आबादी की निस्वार्थ सेवा कर रहे हैं। इन सभी प्रयासों के बीच, ये समय लापरवाह होने का नहीं है। ये समय ये मान लेने का नहीं है कि कोरोना चला गया, या फिर अब कोरोना से कोई खतरा नहीं है। मोदी ने हाल के दिनों में  लोगों के असावधानी बरतने पर चिंता जाहिर की । अगर आप लापरवाही बरत रहे हैं, बिना मास्क के बाहर निकल रहे हैं, तो आप अपने आप को, अपने परिवार को, अपने परिवार के बच्चों को, बुजुर्गों को उतने ही बड़े संकट में डाल रहे हैं। दूसरे देशों में मामले कम होने के बाद फिर से बढे हैं।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 October 2020

 Rahul Gandhi

कमलनाथ : मैं क्यों माफ़ी मांगूगा     पूर्व सीएम और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ के  इमरती देवी को लेकर दिए बयान  पर कांग्रेस दो फाड़ होती नजर आ रही है |  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता  राहुल गांधी ने कमलनाथ के बयान को  दुर्भाग्यजनक बताया है  | राहुल गांधी ने कहा कि कमल नाथ मेरी ही पार्टी से हैं |  लेकिन इस तरह की भाषा मुझे बिल्कुल पसंद नहीं है  | उधर कमलनाथ ने राहुल गाँधी के बयान को लेकर कहा की  |  वो राहुल गाँधी की राय है |  मैं क्यों माफी मांगूगा |  राहुल गाँधी ने कहा कमलनाथ का  बयान बहुत ही दुर्भाग्यजनक है  | राहुल गांधी के इस बयान के बाद अब कमल नाथ के लिए अपनी ही पार्टी में मुश्किल खड़ी हो गई है | कमलनाथ  पहले ही अपने दिए बयान को गलत नहीं बता रहे थे | इसके बाद मामले पर लगातार विरोध के बाद उन्होंने खेद व्यक्त किया था  ... अब राहुल गाँधी के बयान के बाद उन्होंने कहा की ये राहुल जी की राय है  |  मैं क्यों माफी मांगूगा | मैंने कल कह दिया कि मेरा लक्ष्य किसी को अपमानित करने का नहीं था  | और अगर कोई अपमानित अहसास करता है तो मुझे खेद है  |    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 October 2020

 BrahMos supersonic cruise missile

मिसाइल ने सफलतापूर्वक अपने लक्ष्य को निशाना बनाया     भारत ने  भारतीय नौसेना के स्टील्थ डिस्ट्रॉयर से ब्रह्मोस  सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया।   रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन यानि (DRDO) ने  'ब्रह्मोस,  का भारतीय नौसेना के स्वदेशी रूप से निर्मित स्टील्थ डिस्ट्रॉयर आईएनएस चेन्नई से 18 अक्टूबर 2020 को सफलतापूर्वक परीक्षण किया।   मिसाइल ने सफलतापूर्वक अपने लक्ष्य को निशाना बनाया।  ब्रह्मोस 'प्राइम स्ट्राइक हथियार' के रूप में लंबी दूरी तक मार करके युद्धपोत की जीत सुनिश्चित करेगा।   ब्रह्मोस को भारत और रूस द्वारा संयुक्त रूप से डिजाइन, विकसित और निर्मित किया गया है।   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सफल प्रक्षेपण के लिए डीआरडीओ, ब्रह्मोस और भारतीय नौसेना को बधाई दी।  डीआरडीओ के चेयरमैन जी. सतीश रेड्डी ने इस उपलब्धि के लिए डीआरडीओ के वैज्ञानिकों और सभी कर्मचारियों, ब्रह्मोस, भारतीय नौसेना और इंडस्ट्री को बधाई दी।   उन्होंने कहा कि ब्रह्मोस मिसाइल कई तरीकों से भारतीय सशस्त्र बलों की क्षमताओं को मजबूत करेगा।  गौरतलब है की चीन से भारत की तनातनी के बीच यह ब्रह्मोस भारत के लिए एक अच्छी पहल है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 October 2020

  Medical seat

मेडिकल सीट के लिए होगा आवंटन     नीट 2020 का परिणाम  एनटीए ने  जारी कर दिया है। जिसके बाद  परीक्षार्थी ऑल इंडिया कोटा की 15 फीसदी और स्टेट कोटा की 85 फीसदी सीटों के लिए आवेदन कर सकेंगे। यह रिजल्ट पहले 12 अक्टूबर को जारी होना था  लेकिन एनटीए ने ऐसे स्टूडेंट्स के लिए एक और परीक्षा लेने का फैसला लिया, जो 13 सितंबर को आयोजित हुई परीक्षा में कोविड-19 संक्रमण और कंटेंनमेंट जोन में होने के कारण शामिल नहीं हो पाए थे। अब रिजल्ट के बाद 85 फीसदी मेडिकल व डेंटल सीटों पर प्रवेश के लिए नीट काउंसलिंग आयोजित करने को लेकर स्टेट वाइज मेरिट लिस्ट जारी की जाएगी। 15 फीसदी ऑल इंडिया कोटा के तहत सरकारी मेडिकल कॉलेज , सेंट्रल और डीम्ड यूनिवॢसटी, एएफएमसी पुणे की सीटों पर दाखिला होता है। जबकि 85 फीसदी राज्य कोटा के तहत संबंधित राज्य की अथॉरिटी राज्य सरकार के व प्राइवेट मेडिकल, डेंटल कॉलेजों में दाखिले के लिए काउंसलिंग आयोजित करेगी। नीट रिजल्ट की वैलिडिटी एक साल की ही होती है।  कवालीफाई अभ्यर्थी को अपनी जानकारी mcc.nin.in पर रजिस्टर करनी होगी।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 October 2020

 Kamal Patel

मंत्री कमल पटेल ने सम्हाला मोर्चा   कृषि मंत्री कमल पटेल ने मांधाता में बीजेपी के पक्ष में प्रचार किया  | कमल पटेल ने कहा बीजेपी विकास के रास्ते पर प्रदेश को ले जाना चाहती हैं  | बीजेपी  गरीब और किसान का भला चाहती है  | इस लिए वो उपचुनाव में जीतेगी  |  खंडवा जिले की मांधाता विधानसभा के उपचुनाव  में कांग्रेस को सबक सीखने के लिए  भाजपा का संगठन बूथ स्तर पर सक्रिय हो उठा है  |  मांधाता उपचुनाव  में बीजेपी  उम्मीदवार नारायण पटेल को जिताने के लिए पुनासा में पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री सुभाष भगत ,सह संगठन मंत्री हितानन्द शर्मा ,प्रदेश के किसान नेता और कृषि मंत्री कमल पटेल के साथ खंडवा सांसद नन्द कुमार चौहान  ने जिले के पार्टी पदाधिकारी और मंडल अध्यक्ष तक के कार्यकर्ताओं की बैठक की  और पार्टी प्रत्याशी को जिताने की रणनीति तैयार की |   इसके पूर्व पार्टी के प्रमुख नेताओं ने पंडित श्याम प्रसाद मुखर्जी और पंडित दीनदयाल उपाध्याय के चित्रों पर माल्यार्पण कर बैठक की शुरुआत की  |  इस मौके पर कृषि मंत्री कमल पटेल  ने कहा की बीजेपी  गरीब और किसान का भला चाहती है |  इस लिए वो उपचुनाव में जीतेगी

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 October 2020

  Narayan Patel

सिंधिया आधी क्या पूरी कांग्रेस खरीद सकते हैं   कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए नरायण पटेल ने बड़बोलापन दिखाते हुए कहा की |  ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास इतनी संपत्ति है की वे चाहे तो पूरी कांग्रेस खरीद लें  |  उप चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के नेताओं के बेतुके बयानों से पार्टी का समीकरण बिगड़ सकता है | दोनों ही पार्टियों ने अपने नेताओं को तोलमोल पर बोलने की सलाह दी है |  एमपी के उपचुनाव में मान्धाता से एक  नेता के बड़बोलेपन का वीडियो सामने आया है |  कांग्रेस से भाजपा में पहुंचे नारायण पटेल ने अतिउत्साह में कुछ ऐसा कहा जिससे भाजपा को नुक्सान हो सकता है  | जब पटेल से बिकाऊ नहीं टिकाऊ पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा की |  ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास इतनी संपत्ति है की  | वे आधी कांग्रेस क्या पूरी कांग्रेस खरीद ले|  हाल ही में कांग्रेस नेता दिनेश गुर्जर का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को नंगा भूखे घर का कहने पर कांग्रेस की जमकर किरकिरी हुई थी | और भाजपा को कांग्रेस पर निशाना साधने का एक और हथियार मिल गया था |  वहीँ पिछले लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी को कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर द्वारा नीच कहे जाने पर भी कांग्रेस की मुश्किलें काफी  बढ़ गई थीं  |  ऐसे बयानों से कभी कभी  राजनीतिक समीकरण के साथ साथ चुनाव परिणाम भी बदल जाते हैं  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 October 2020

 Loan restructuring plan

पुनर्गठन मसौदा सिर्फ योग्य कर्जदारों के लिए     रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया  ने कोविड 19  महामारी के बीच  लोन पुनर्गठन योजना पर बड़ा ऐलान किया है। रिजर्व बैंक ने स्पष्ट किया है कि ऐसे मानक ऋण खाते, जिनमें एक मार्च 2020 तक कोई चूक नहीं हुई थी  वे ही अगस्त में महामारी संबंधी समाधान मसौदे के तहत पुनर्गठन के पात्र होंगे । आरबीआई  ने अपने 6 अगस्त के परिपत्र पर यह स्पष्टीकरण मंगलवार देर रात कर्जदारों के साथ ही कर्जदाताओं को भी जारी कर दिया।  ऐसे लोन खाते जिनमें एक मार्च 2020 को 30 दिन से अधिक का बकाया था, वे कोविड  समाधान मसौदे के तहत पुनर्गठन के पात्र नहीं हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि पुनर्गठन मसौदा सिर्फ योग्य कर्जदारों के लिए  है, जिन्हें एक मार्च 2020 को मानक के रूप में वर्गीकृत किया गया है। हालांकि केंद्रीय बैंक ने  कहा कि ऐसे खातों का सात जून, 2019 के विवेकपूर्ण मसौदे के तहत समाधान किया जा सकता है।रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 100 करोड़ रुपए और उससे अधिक के लोन पर किसी क्रेडिट रेटिंग एजेंसी द्वारा स्वतंत्र मूल्यांकन को लेकर  कहा कि यदि एक से अधिका एजेंसी से रेटिंग ली जाती है, तो ऐसे में सभी की राय आरपी4 रेटिंग या उससे उपर होनी चाहिए। इसके साथ ही  26 जून को प्रभावीस सूक्ष्म, लघु और मझौले उद्यमों की नई परिभाषा, समाधान के लिए उनकी पात्रता को प्रभावित नहीं करेगी। यह समाधान एक मार्च, 2020 तक मौजूद परिभाषा के आधार पर होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 October 2020

   Mehbooba Mufti

सांसद दिग्विजय सिंह ने  महबूबा मुफ्ती का समर्थन किया        पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी  की अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने 14 माह बाद रिहा होते ही केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा की जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 का हटाया जाना असंवैधानिक है।  उनकी लड़ाई जारी रहेगी। इस पर कांग्रेस राजयसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने  महबूबा मुफ्ती का समर्थन किया है। दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर लिखा है की , 'मेहबूबा मुफ़्ती को रिहा किया गया मैं स्वागत करता हूं। लेकिन 1 साल पहले के हालात और 370 हटाने से अब, क्या आतंकवाद समाप्त हो गया? क्या काश्मीर के हालातों में कोई सुधार हुआ है? लगता तो नहीं है। और मेहबूबा जी भी ऐसी शक्सियत जिसे भाजपा ने समर्थन दे कर JK का मुख्यमंत्री बनाया था। यह लोग किसी के सगे नहीं हैं “मैं मेरा और अपना” यही इनकी रणनीति है और यही राजनीति है। बस इनका भला होता रहे बाक़ी जाएँ जहन्नुम में।नितीश जी होशियार ख़बरदार अब आप रडार  पर हैं।' इस पर मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दिग्विजय को आड़े हाथों लेते हुए कहा की दिग्विजय को 370 हटने से ख़ुशी नहीं हुई थी। महबूबा के रिहा होने पर इनको ख़ुशी हो रही है।  गौरतलब है की  महबूबा को जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम को लागू किए जाने के मद्देनजर प्रदेश प्रशासन ने एहतियातन पांच अगस्त 2019 की हिरासत में लिया था। इसके बाद इसी साल फरवरी में उन्हें जन सुरक्षा अधिनियम (पीएसए) के तहत बंदी बनाया गया था। मेहबूबा की बेटी इल्तिजा मुफ्ती ने भी अपनी मां की रिहाई की पुष्टि करते हुए कहा कि महबूबा मुफ्ती की हिरासत मंगलवार को समाप्त हो गई है। इस मुश्किल वक्त में साथ देने वालों की मैं आभारी हूं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 October 2020

   Employment campaign

गरीब कल्याण रोजगार अभियान को  शुरू किया गया       गांवों में लौटने वाले प्रवासी श्रमिकों के लिए रोजगार और आजीविका के अवसरों को बढ़ावा देने के लिए गरीब कल्याण रोजगार अभियान को  शुरू किया गया।15वें सप्ताह तक कुल लगभग 32 करोड़ श्रम दिवसों के बराबर रोजगार उपलब्ध कराया गया है।  31577 करोड़ रुपए अब तक अभियान के उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए खर्च किए गए हैं। बड़ी संख्या में ढांचों का निर्माण किया गया है जिनमें 1,32,146 जल संरक्षण संरचनाएं, 4,12,214 ग्रामीण घर, 35,529 मवेशी शेड, 25,689 खेत तालाब और 16,253 सामुदायिक स्वच्छता परिसरों का निर्माण शामिल है।इसी तरह ग्रामीण क्षेत्र में प्रभावित नागरिकों और कोविड-19 के प्रकोप के मद्देनजर, 6 राज्यों के अपने पैतृक गांवों में लौट आए प्रवासी श्रमिकों को रोजगार प्रदान करने के लिए मिशन मोड पर काम किया जा रहा है। यह अभियान इन राज्यों के 116 जिलों में आजीविका के अवसरों के साथ ग्रामीणों को सशक्त बना रहा है।जिला खनिज निधि के माध्यम से 7,340 कार्य किए गए, 2,123 ग्राम पंचायतों को इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रदान की गई , ठोस और तरल अपशिष्ट प्रबंधन से संबंधित कुल 21,595 काम किए गए , और 62,824 उम्मीदवारों को कृषि विज्ञान केंद्र के माध्यम से कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। राज्य प्रवासी श्रमिकों और ग्रामीण समुदायों को अधिक मात्रा में लाभ प्रदान कर रहे हैं।  जो अपने गृह नगर में वापस आकर नौकरी और आजीविका पाना चाहते हैं।   उनके लिए यह अच्छी पहल की गई है।      

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 October 2020

  Government Job

ग्रुप-बी और  ग्रुप-सी में  लिखित परीक्षा के आधार पर होगा चयन   सरकारी नौकरी के इच्‍छुक लोगों के लिए यह बड़ी खबर है।केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि  केंद्र सरकार में ग्रुप-बी और ग्रुप-सी पदों के लिए साक्षात्कार समाप्त कर दिए गए हैं। सरकार ने एक अहम सूचना देते हुए बताया है कि सरकारी पदों पर भर्ती के लिए अब साक्षात्‍कार को खत्‍म कर दिया गया है। यह प्रक्रिया 23 राज्‍यों एवं 8 केंद्र शासित प्रदेशों में खत्‍म की गई है। इसके पीछे मुख्‍य कारण यह है कि अब सरकार नौकरी में चयन के लिखित परीक्षा को मुख्‍य आधार बनाना चाहती है। जितेंद्र सिंह ने कहा कि पहले साक्षात्कार के अंकों को लेकर इस बात की शिकायत थी  कि कुछ उम्मीदवारों की मदद के लिए उनमें जोड़-तोड़ की जा रही थी। चयन के लिए सिर्फ लिखित परीक्षा के अंकों पर विचार से  उम्मीदवारों को समान और सही अवसर उपलब्ध होता है।  साक्षात्कार खत्म होने से चयन प्रक्रिया में पारदर्शिता के साथ  निष्पक्षता आएगी।  इसके साथ ही जो खर्च साक्षात्कार कराने में लगता है उसमे भी बचत होगी। इसके साथ ही इसमें लगाने वाला समय भी कम किया जा सकेगा।  गौरतलब है की स्वतंत्रता दिवस के मौके पर  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साक्षात्कार समाप्त करने का सुझाव दिया था।  और लिखित परीक्षा के आधार पर नौकरी में चयन की बात कही थी। प्रधानमंत्री की सलाह पर कार्मिंक और प्रशिक्षण विभाग ने एक व्यापक बदलाव किया है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 October 2020

  Negligence

लापरवाही न बरतने का दिशा-निर्देश राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए एडवाइजरी जारी    गृह मंत्रालय ने महिलाओं के खिलाफ बढ़ते आपराधिक मामलों के चलते  सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए एडवाइजरी जारी की है। इसमें महिला अपराध के मामलों में पुलिस की कार्रवाई सुनिश्चित करने को कहा गया है। ऐसे मामलों में  लापरवाही न बरतने का दिशा-निर्देश दिया गया है। गौरतलब है  कि उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान व कुछ अन्य राज्यों में महिलाओं के खिलाफ हालिया घटनाओं को देखते हुए यह  किया गया है। अभी तक देखा गया है की  भारत सरकार की तरफ से राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को समय-सयम पर महिला अपराधों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए जाते रहे हैं। दुष्कर्म के मामलों में जल्द एफआईआर दर्ज करने, सबूत इकठ्ठा करने के साथ ही  समय पर फॉरेंसिक जांच करने का निर्देश है। मंत्रालय ने कहा है कि महिला के खिलाफ अपराध यदि थाने के अधिकार क्षेत्र के बाहर हुआ है तो उस स्थिति में जीरो एफआईआर (FIR) दर्ज की जाए। दिशा-निर्देशों में कोई चूक होने पर  अधिकारियों  के खिलाफ भी कार्रवाई होगी।सीआरपीसी के तहत संज्ञेय अपराध के मामले में FIR अनिवार्य रुप से दर्ज होना चाहिए। नहीं तो अधिकारी के खिलाफ  एक्शन लिया जाएगा। नियम अनुसार  धारा 166 (A) FIR दर्ज न करने की स्थिति में पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई का प्रावधान है।सीआरपीसी की धारा 173 के तहत दुष्कर्म के मामले में 2 महीने के भीतर जांच पूरी करना ज़रूरी है।  ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से अपराध में जांच की प्रगति जानी जा सकती है।  सीआरपीसी के सेक्शन 164-A के अनुसार, दुष्कर्म के मामले में सूचना मिलने के 24 घंटों के अदर पीड़िता की सहमति से एक रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर मेडिकल जांच करेगा। दुष्कर्म, यौन शोषण और हत्या जैसे संगीन अपराध होने पर सबूत एकत्रित करने के लिए गाइडलाइंस बनी  है। ऐसे मामले में इन गाइडलाइंस का पालन करना अनिवार्य है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 October 2020

 Hathras scandal

 पीड़िता के  परिवार पर फ़साने का लगाया आरोप  SC  या HC  के जज करें हाथरस कांड की जांच     उत्तर प्रदेश के हाथरस में युवती से दुष्कर्म और फिर उसकी मौत का मामला थमता नजर नहीं आ रहा है। हाथरस कांड के आरोपियों संदीप, रामू, लवकुश और रवि ने एसपी को चिट्ठी लिखकर पीड़िता के परिवार पर ही सवाल उठाए हैं। चिट्ठी में लिखा गया है कि पीड़िता के परिवार द्वारा  उन्हें फंसाया गया  है। संदीप की लड़की से दोस्ती थी और यह बात परिवार वालों को नापसंद थी।जिसको लेकर उन्होंने पीड़िता की पिटाई की थी।मामले में आरोपियों ने युवती की मां और भाई को दोषी ठहराया  है। उधर मामले में राजनीती कर रही कांग्रेस ने हाथरस कांड में उत्तर प्रदेश सरकार पर ध्यान भटकाने और बहाने तलाशने का आरोप लगाया और कहा  इस घटना की सुप्रीम कोर्ट या हाईकोर्ट के किसी वर्तमान जज से जांच कराई जानी चाहिए। प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने  कहा कि राज्य की भाजपा सरकार घड़ियाली आंसू बहाना बंद करके घटना के असली दोषियों को सजा दिलाने का प्रयास करे। उन्होंने कहा दंगों की साजिश की बात उस वक्त की जा रही है जब एक महिला के साथ ज्यादती और हत्या का आरोप है। उन्होंने कहा  अगर कोई पीड़िता के घर जाकर सहानुभूति जता देता है तो वो देशद्रोह नहीं है। सिंघवी ने दावा किया कि भाजपा के कई नेता इस घटना को लेकर ओलकतंत्रिक बाते कर रहे हैं।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 October 2020

 Reserve Bank of India

 रिवर्स रेपो रेट में भी कोई बदलाव नहीं   ब्याज दरों में और कमी की उम्मीद नहीं      रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक नीति कमेटी की बैठक के बाद   कहा कि रेपो रेट 4 फीसदी पर बनी रहेगी। वहीं रिवर्स रेपो रेट में भी कोई बदलाव नहीं किया गया है। यानी अभी ब्याज दरों में और कमी की उम्मीद नहीं है। हालांकि शक्तिकांत दास ने कहा कि कोरोना महामारी के बाद देश की अर्थव्यस्था में सुधार आया है। देश का मूड अब आगे बढ़ने की ओर है। जीडीपी ग्रोथ सकारात्मक रहने की उम्मीद है। RBI की मौद्रिक नीति कमेटी की बैठक का शुक्रवार को तीसरा दिन था। यह बैठक 7 अक्टूबर से शुरू हुई थी। पहले इसके लिए 29 सितंबर की तारीख तय थी, लेकिन किन्हीं कारणों से बैठक टल गई।  उम्मीद कम थी कि रिजर्व बैंक नीतिगत दरों में कोई बदलाव करेगा, लेकिन  कोरोना महामारी के बाद मुश्किलों का सामना कर रहे हैं |  आरबीआई की मौद्रिक नीति कमेटी में तीन जाने माने अर्थशास्त्री अशिमा गोयल, जयंत आर वर्मा और शशांक भिडे शामिल हुए |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 October 2020

bangal bjp pradarshan

  भाजपा के प्रदर्शन 'नबन्ना चलो' पर बंगाल में मचा बवाल    राज्य में लगातार हो रहीं भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं की हत्या के खिलाफ भाजपा का यह प्रदर्शन कर रही हैं | मगर पश्चिम बंगाल में भाजपा का जबरदस्त विरोध प्रदर्शन जारी हैं | इस आंदोलन को 'नबन्ना चलो' नाम दिया गया है। गुरुवार को भाजपा प्रदेश में 4 प्रमुख रैलियां निकल रही है। इनमें तीन कोलकाता में और एक हावड़ा के सिबपुर से सचिवालय तक है। इसी कड़ी में |  भाजपा नेता सचिवालय से नाबन्ना तक विरोध मार्च निकालना चाह रहे थे |  जिसे पुलिस ने रोकने की कोशिश की। पुलिस और भाजपा कार्यकर्ता आमने सामने आ गए। भाजपाइयों को रोकने के लिए पुलिस ने पहले लाठीचार्ज किया और फिर वॉटर कैनन का इस्तेमाल भी किया। पुलिस का कहना है कि इलाके में धारा 144 लगी है, जिसे भाजपा नेता तोड़ रहे हैं। साथ ही पुलिस अपनी सख्ताी के पीछे सुप्रीम कोर्ट के हालिया आदेश का हलावा दे रही है, जिसमें कहा गया है कि विरोध प्रदर्शन के नाम पर सार्वजनिक स्थानों पर कब्जा नहीं किया जा सकता है।  भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय का कहना हैं की शांतिपूर्ण तरीके से और लोकतांत्रिक तरीके से हम विरोध प्रदर्शन कर रहे थे |  जिसमें ममता दीदी ने पुलिस के जरिए हम पर हमला कवराया | वही दिलीप घोष, पश्चिम भाजपा अध्यक्ष ने कहा की  धारा 144 सिर्फ भाजपा पर ही क्यों। टीएमसी और अन्य दल भी इसका उल्लंघन करते हैं। भाजपा रुकने वाली नहीं है |  भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या का कहना हैं की  दीदी डरी हुई हैं, मैंने ये सुना है कि दीदी ने मुख्यमंत्री कार्यालय भी बंद कर दिया है, यह डर अच्छा है, यह इस बात का इशारा है कि बंगाल में परिवर्तन आ रहा |    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 October 2020

tufan barish 2020

   9 अक्टूबर के बाद भारी बारिश की संभावना हैं 8 राज्यों में   देश में मानसून की विदाई का वक्त चल रहा है। हालांकि जाते जाते भी मानसून की प्रदेश में बारिश कर रहा है। इस बीच, खबर है कि बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान की स्थिति बन रही है। मौसम विभाग के अनुसार, उत्तरी अंडमान सागर में 9 अक्टूबर को कम दबाव का क्षेत्र बन सकता है। इसके चक्रवाती तूफान बनकर आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटीय इलाके की ओर बढ़ने की आशंका है। कम दबाव वाले क्षेत्र से ओडिशा और तटीय आंध्र प्रदेश में 11-13 अक्टूबर के बीच बारिश हो सकती है। बंगाल की खाड़ी में बने इसी कम दबाव के क्षेत्र के कारण अभी मुंबई में बारिश जारी रहेगी। वहीं स्कायमेट के अनुसार, यह सिस्टम अगले 48 घंटों तक बंगाल की खाड़ी में ओडिशा और इससे सटे भागों के करीब बना रहेगा। उसके बाद यह ओडिशा के रास्ते जमीनी भागों की ओर बढ़ेगा। 10 अक्टूबर तक यह छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश होते हुए महाराष्ट्र के कोंकण क्षेत्र पर पहुंच सकता है। इसका असर पूर्वी उत्तर प्रदेश से लेकर मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और गुजरात तक दिखेगा।अक्टूबर में भी बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान आता है। 2013 और 2014 के अक्टूबर महीने में भयंकर चक्रवाती तूफान फेलिन और हुदहुद आया था। इन दोनों तूफानों ने ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटीय इलाके में काफी तबाही मचाई थी।स्काटमेट के अनुसार, दक्षिण पश्चिम मानसून साल 2020 में वापसी की राह पर है। इसकी विदाई की शुरुआत 11 दिनों की देरी से 28 सितंबर 2020 को शुरू हुई। 30 सितंबर को इसने समूचे उत्तर पश्चिम भारत को अलविदा कह दिया। दूसरे चरण में जम्मू कश्मीर से लेकर दिल्ली तक के क्षेत्र शामिल रहा। 30 सितंबर को मानसून की विदाई जम्मू कश्मीर से लेकर गिलगित-बालटिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश से हो गई |  अगले दो-तीन दिनों के दौरान उत्तरी मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, राजस्थान के लगभग सभी क्षेत्रों और उत्तर प्रदेश के कुछ भागों से मानसून के वापस होने की संभावना है। लेकिन मध्य भारत के बाकी हिस्सों और पूर्वी तथा पूर्वोत्तर राज्यों से इसकी वापसी कुछ समय के लिए अभी लटक सकती है, क्योंकि एक निम्न दबाव का क्षेत्र बंगाल की खाड़ी पर बना हुआ है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 October 2020

baba mahakaal

    महाकाल बाबा के दर्शन के लिए मास्क पहनना होगा अनिवार्य    महाकाल बाबा की भस्मारती दर्शन पर कोरोना संक्रमण के कारण 17 मार्च से रोक लगी हुई थी  |  मगर अब 1200  भक्तों को भस्म आरती के दर्शन की एक साथ अनुमति मिल सकती हैं |  शारीरिक दूरी और मास्क पहनना अनिवार्य होगा  | उज्जैन के अवंतिकानाथ महाकाल के भक्तों के लिए बड़ी खुशखबरी है। कोरोना संक्रमण के कारण बीते छह महीने से भी अधिक समय से भस्मारती दर्शन पर लगी रोक जल्द हटाई जाएगी। शुरुआती चरण में सीमित संख्या में भक्तों को अनुमति जारी की जाएगी। भक्तों के लिए शारीरिक दूरी व मास्क पहनना अनिवार्य होगा। रोजाना तड़के चार बजे महाकाल की भस्मारती होती है। इसमें राजाधिराज को भस्म अर्पित की जाती है। आरती दर्शन के लिए देश-विदेश से सैकड़ों श्रद्घालु उज्जैन आते हैं। कोरोना काल से पूर्व रोजाना 1800 श्रद्घालुओं को अनुमति प्रदान की जाती थी। त्योहारों पर ये संख्या दो हजार के भी पार हो जाती थी, मगर अब इसे 1200 तक सीमित किया जा सकता है। कोरोना संक्रमण के कारण 17 मार्च से भस्मारती दर्शन पर रोक लगा दी गई थी। इस दौरान सिर्फ पुजारियों को भीतर जाने की अनुमति थी। इस बीच जून में अनलॉक शुरू होने के बाद मंदिर में दर्शन व्यवस्था तो शुरू हो गई, मगर भस्मारती दर्शन पर लगी रोक जारी रही। आरती के लिए दर्शन अनुमति कब तक जारी होगी, इसकी तारीख अभी तय नहीं हुई है। इधर अधिकारियों का कहना है कि इसकी शुरुआत जल्द होगी। इस संबंध में मंदिर समिति सदस्यों, पुजारियों से भी चर्चा हो चुकी है। ऑनलाइन अनुमति के लिए 100 रुपये तथा मैन्युअली अनुमति के लिए कोई शुल्क नहीं देना होगा।भस्मारती की अनुमति अधिकतम 1200 श्रद्घालुओं को ही दी जाएगी।अनुमति के लिए पूर्व की तरह मंदिर की वेबसाइट पर ऑनलाइन और मंदिर में स्थापित काउंटर पर मैन्युअली आवेदन किया जा सकेगा।अनुमति के लिए सभी श्रद्घालुओं के आधार कार्ड अथवा अन्य परिचय पत्र अनिवार्य होंगे।अनुमति प्राप्त श्रद्घालुओं को कोविड संक्रमण रोकने के लिए बनाए गए सभी नियमों का पालन करना होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 October 2020

 Uma Corona Infected

पहाड़ों में उमा को हुआ कोरोना संक्रमण    बीजेपी की फायर ब्रांड नेता मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमाभारती को पहाड़ों की यात्रा के दौरान कोरोना संक्रमण हो गया है |  उमाभारती ने     ट्वीट कर  ये  जानकारी दी |  केदारनाथ और बदरीनाथ की यात्रा के दौरान बीजेपी नेता उमा भारती को कोरोना संक्रमण हो गया है | उमा भारती ने ट्वीट कर कहा |  मै आपकी जानकारी मै यह बात डाल रही  हूँ की मैंने आज अपनी पहाड़ की यात्रा के समाप्ति के अन्तिम दिन प्रशासन को आग्रह करके कोरोना टेस्ट  की  टीम को बुलवाया  | क्यूँकि मुझे 3 दिन से हलका बुख़ार था | मैंने हिमालय में कोविड के सभी विधिनिषेध एवं सोशल डिस्टंस का पालन किया फिर भी मै अभी क़ोरोना पोज़िटिव निकली  हूँ  | मै अभी हरिद्वार एवं ऋषिकेश के बीच  वन्दे मातरम् कुंज में क्वॉरंटीन हू |  जो की मेरे परिवार के जैसा है  | 4 दिन के बाद फिर से टेस्ट कराऊँगी एवं स्थिति ऐसी ही रही तो डॉक्टरो के परामर्श के अनुसार निर्णय लूंगी  | उन्होंने लिखा है कि मेरे इस ट्वीट को जो भी मेरे संपर्क में आये हुए भाई- बहन पढ़े या उन्हें जानकारी हो जाये | उन सबसे मेरी अपील है की वो अपना  कोरोना टेस्ट करवाये एवं सावधानी  बरतें  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 September 2020

 UMA BHARTI

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ की पूजा   अधिक मास के पहले सोमवार को मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती बाबा केदारनाथ के दर्शन के लिए पहुंचीं और उ  कोरोना से मुक्ति  के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ भगवान् की आराधना की |  कोरोना संक्रमण काल में बीजेपी नेता पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती अधिकमास के पहले सोमवार को बाबा केदारनाथ के दर्शन करना पहुंचीं | उमा भारती ने कहा कि में केदारनाथ आने के लिए तड़फ रही थी | मुझे बाबा ने मौका दे दिया |  में बाबा केदारनाथ से प्रार्थना करती हूँ कि वह देश और दुनिया को कोरोना से मुक्ति दिलवाएं  | पूजा पाठ के दौरान उमा भारती  सोशल डिस्टेंसिंग का पालन  करती नजर आयीं | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 September 2020

 Sunil Arora

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने  दिए संकेत   मध्य प्रदेश में 26 सीटों पर  उपचुनाव  सितम्बर के आखिरी सप्ताह में करवाए जा सकते हैं  | मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने  कहा कि प्रदेश में उप चुनाव समय पर होंगे और सितंबर के अंत तक इन्हें करा लिया जाएगा  |  मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा बिहार में समय पर चुनाव होंगे  | इसके साथ ही मध्यप्रदेश में भी  सितंबर महीने के अंतिम सप्ताह में  चुनाव करवा लिए जाएंगे | मुख्य चुनाव आयुक्त के बयान से अंदाजा लगाया जा सकता है कि चुनाव की तारीख की घोषणा जल्द ही हो सकती है |  मध्य प्रदेश में 26 सीटों पर उप चुनाव होना है, जिसके लिए सभी राजनीतिक दलों ने अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं |  पत्रिका के की नॉट कार्यक्रम में मुख्यचुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा हमारा इरादा दृढ़ है |  लेकिन एक्स्ट्रा ऑर्डनरी स्थिति में चुनाव बढाए जा सकते हैं  | लेकिन हम समय सीमा में चुनाव करवाना चाहते हैं | उन्होंने कहा हमने राजनैतिक दलों से सुझाव मांगे हैं |  और कोरोना संक्रमण के बीच हम पूरी एहतियात के साथ चुनाव करवाना चाहते हैं |  कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए पहले उप चुनाव कुछ समय के लिए टलने की आशंका जताई जा रही थी  | लेकिन अब मुख्य चुनाव आयुक्त बयान से यह साफ हो गया है कि मध्य प्रदेश में तय समय पर ही चुनाव होंगे  |  सितंबर के अंत तक ये पूरे हो जाएंगे  | हालांकि चुनाव आयोग इस बार कोरोना को लेकर बहुत अहतियात बरतेगा    |  माना जा रहा है कि वोटर्स की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए ज्यादा पोलिंग बूथ बनाए जाएंगे  | इसके साथ ही इनमें शारीरिक दूरी के साथ कोरोना को लेकर जारी किए गए सभी नियमों का पालन कराया जाएगा | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 July 2020

 Development encounter

पुलिस की गाडी के एक्सीडेंट के बाद भागा विकास के एनकाउंटर से उठे कई सवाल कल उज्जैन में किया था विकास ने समर्पण   उत्तर प्रदेश के मोस्टवांटेड विकास दुबे का एनकाउंटर हो गया है |  विकास दुबे को  उज्जैन से कानपुर ले जाते समय  यूपी एसटीएफ की  टीम  की एक गाड़ी पलट गई  | ऐसे में मौका पाकर विकास दुबे ने  एक घायल पुलिसकर्मी का हथियार ले कर  भागने की कोशिश की  |  दोनों तरफ से फायरिंग हुई |  विकास दुबे को घायल हालत में अस्पताल में भर्ती करवाया गया, लेकिन उसकी मौत हो गई  | मुठभेड़ में विकास दुबे की कमर और सीने में करीब 4-5 गोलियां लगी  |  गैंग्स्टर विकास दुबे ने गुरूवार को उज्जैन के महाकाल मंदिर में एक तरह से आत्मसमर्पण किया था  | देर शाम यूपी पुलिस की टीम उसे उज्जैन से कानपुर के लिए ले कर निकली और आज सुबह विकास यादव मुठभेड़ में मारा गया |  यूपी पुलिस की माने तो  विकास दुबे  आठ  पुलिसकर्मियों के शहीद होने  के मामले में फरार था | उस पर पांच लाख का इनाम घोषित किया गया था  | मध्य प्रदेश पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये जाने के पश्चात पुलिस व एसटीएफ टीम  आज उसे  कानपुर  ला रही थी | तभी  कानपुर  में  भौंती के पास पुलिस का   वाहन दुर्घटना ग्रस्त होकर पलट गया, जिससे उसमें बैठे अभियुक्त व पुलिस जन घायल हो गये |  इसी दौरान विकास दुबे  ने घायल पुलिस कर्मी की पिस्टल छीन कर भागने की कोशिश की | पुलिस टीम द्वारा पीछा कर उसे घेर कर आत्मसमर्पण करने हेतु कहा गया किन्तु वह नहीं माना और पुलिस टीम पर जान से मारने की नियत से फायर करने लगा | पुलिस द्वारा आत्मरक्षार्थ जबाबी फायरिंग की | जिससे  दुबे घायल हो गया |  जिसे तत्काल ही ईलाज हेतु अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान  विकास दुबे की मृत्यु हो गयी  |  इससे पहले विकास दुबे के उज्जैन से गिरफ्तार किए जाने के बाद गुरुवार रात उसकी पत्नी रिचा बेटे के साथ लखनऊ में अपने मकान के पास से पकड़ी गई|  डायल 112 पर स्थानीय लोगों ने रिचा और उनके बेटे को देखकर फोन किया था  |  इस बीच एसटीएफ की टीम भी वहां पहुंच गई और कृष्णा नगर पुलिस की मदद से रिचा को गिरफ्तार कर लिया | इससे पहले कृष्णा नगर पुलिस ने विकास के नौकर महेश को गिरफ्तार कर एसटीएफ के हवाले कर दिया था  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 July 2020

 Jyotiraditya Scindia

कोरोना से ठीक हुए लोगो से की अपील प्लाज्मा डोनेट कर अन्य के इलाज में करें मदद   कोरोना वायरस को हरा चुके ज्योतिरादित्य सिंधिया ने | अन्य कोरोना संक्रमितों के इलाज में मदद करने के लिए अपना प्लाज्मा डोनेट किया हैं  |  कोरोना महामारी संक्रमण का सामना कर  | कोरोना को मात दे चुके  | ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिल्ली में अन्य कोरोना मरीजों के इलाज में मदद मिल सके इसके लिए अपना प्लाज्मा डोनेट किया  | और कहा की संक्रमण का सामना कर मैं और मेरे जैसे हजारों अन्य नागरिक जो स्वस्थ हो चुके हैं  |   उन्हें अपना प्लाज्मा डोनेट कर अन्य संक्रमितों के इलाज में मदद करनी चाहिये  |  देशवासियों की जान की सुरक्षा करना सभी का दायित्व है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 July 2020

 Jyotiraditya Scindia

माधवी राजे सिंधिया को हुआ कोरोना दिल्ली के मैक्स अस्पताल में हैं भर्ती   भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां माधवी राजे सिंधिया कोरोना पॉजिटिव हैं |  दिल्ली के मैक्स अस्पताल में उनका इलाज किया जा रहा है अस्पताल ने ही उनके कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि की है |  भाजपा की ओर से राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन भरने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया भोपाल से दिल्ली चले गए थे |  इसके बाद वे लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में ही थे  | माना जा रहा है वे दिल्ली में ही किसी कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने से इसका शिकार बने हैं  |  भाजपा में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर नहीं आए थे   उपचुनाव को लेकर चल रही तैयारियों के लिए भी समर्थक उनका इंतजार कर रहे थे |  ऐसे में खबर है की ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी माँ माधवी राजे सिंधिया कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं | जानकारी के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान  सिंधिया  स्वास्थ ठीक था, वे इस दौरान फोन से अपने समर्थकों के साथ संपर्क बनाए हुए थे |  एक दिन पहले ही उन्हें तबीयत बिगड़ने के बाद मैक्स अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उनकी कोरोना जांच की गई जो पॉजिटिव निकली  | बताया जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां माधवी राजे सिंधिया के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद उनके पूरे परिवार की स्वास्थ जांच की गई है  |  यह भी पता लगाया जा रहा है कि वे कैसे इसकी चपेट में आ गए | ज्योतिरादित्य सिंधिया की तबीयत खराब होने की बात पता चलने पर उनके समर्थकों में चिंता की लहर छा गई है | भाजपा में शामिल होने के बाद पहली बार ग्वालियर आने पर वे सिंधिया का जोर-शोर से स्वागत करने की तैयारी में थे |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 June 2020

 Death of workers

थकान के कारण पटरी पर सो गए थे मजदूर   महाराष्ट्र के औरंगाबाद से शुक्रवार सुबह एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है.  |  रेल की पटरी पर प्रवासी मजदूरों को एक मालगाड़ी ने रौंद दिया |  औरंगाबाद के जालना रेलवे लाइन के पास ये हादसा हुआ |  जिसमें 16 मजदूरों की मौत हो गई है जबकि कई अन्य मजदूर घायल हो गए |  मध्यप्रदेश के थे और पटरी के सहारे पैदल लौट रहे थे  | मध्यप्रदेश सरकार ने मृतक मजदूरों के परिजनों को 5-5 लाख  के मुआवजे का ऐलान किया है  |  लॉकडाउन में फंसे हजारों प्रवासी मजदूरों का पैदल अपने घर जाना  जारी है |   शुक्रवार को महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक मालगाड़ी ने पटरी पर 16 मजदूरों को कुचल दिया | ये सभी प्रवासी मजदूर अपने घर पैदल जा रहे थे  | घटना के बाद स्थानीय प्रशासन और रेलवे के अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं | ये सभी मजदूर मध्य प्रदेश के रहने वाले थे, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मृतक मजदूरों के परिवार वालों को 5-5 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है |  उन्होंने रेल मंत्री से बात कर घायलों की सहायता करने को कहा है |  भारतीय रेलवे की ओर से इस हादसे को लेकर जो बयान जारी किया गया है, उसमें कहा गया है कि औरंगाबाद से कई मजदूर पैदल सफर कर आ रहे थे, कुछ किलोमीटर चलने के बाद ये लोग ट्रैक पर आराम करने के लिए रुके, उस वक्त मालगाड़ी आई और उसकी चपेट में कुछ मजदूर आ गए |  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी औरंगाबाद में हुए रेल हादसे पर दुख व्यक्त किया है. पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि औरंगाबाद में हुए रेल हादसे में जिनकी जान गई है, उससे काफी दुख पहुंचा है | पीएम मोदी ने इस हादसे के बारे में रेल मंत्री पीयूष गोयल से बात की है और हालात का जायजा लेने को कहा है | कोरोना वायरस की वजह से लगे लॉकडाउन के कारण देशभर में मजदूर फंस गए थे | कई जगह से हजारों की संख्या में मजदूर पैदल ही अपने गांव-घर की ओर निकल रहे थे |   ऐसे में रात को रुकने के लिए सैकड़ों मजदूरों ने रेलवे ट्रैक का सहारा लिया | | हालाँकि बीते दिनों केंद्र सरकार की ओर से मजदूरों को उनके राज्य वापस भेजने की इजाजत दे दी गई थी |   जिसके बाद राज्य सरकारों ने बसों की व्यवस्था कर अपने मजदूरों को बुलाया  |  इसके अलावा रेलवे की ओर से स्पेशल श्रमिक ट्रेन भी चलाई गई हैं, जो मजदूरों को उनके राज्य पहुंचा रही हैं |  औरंगाबाद में ट्रेन की चपेट में आए सभी 16 मजदूर मध्यप्रदेश के शहडोल जिले के रहने वाले हैं |   ये लोग रेल पटरी के सहारे जालना से भुसावल जा रहे थे  |  40 किमी पैदल चलने के बाद थकान के कारण ये पटरी पर बैठ गए और वहीं सो गए |  इन्हें लगा कि अभी ट्रेनें बंद है, लेकिन एक मालगाड़ी ने चपेट में ले लिया  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 May 2020

 murder

2000 जमातियों को लुक आउट नोटिस जारी   देश में कोरोना मरीजों की संख्या में बेतहाशा बढ़ोतरी करने के लिए जिम्मेदार मौलाना मोहम्मद साद  के खिलाफ अब केंद्र ने कड़ा कदम उठाया है | सरकार ने मौलाना साद के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया है |  दिल्ली में तब्लीगी जमात मरकज मामले का खुलासा होने के बाद पुलिस ने मौलाना के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया था, तभी से मौलाना फरार है  |  केंद्र ने अब मौलाना पर बड़ी कार्रवाई करते हुए गैरइरादतन हत्या की धारा भी लगा दी है |  इसके अलावा गायब हुए 2000 जमातियों के खिलाफ भी सरकार द्वारा लुकआउट नोटिस जारी कर दिया गया है |  देश में लॉकडाउन लागू होने के बावजूद दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात मरकज में हजारों विदेशी जमातियों को इकट्ठा किया गया था  | जमात प्रमुख मौलाना मोहम्मद साद का इस दौरान एक ऑडियो भी वायरल हुआ था जिसमें उसने जमातियों को जमा होने के लिए भड़काया था |  इन जमातियों में विदेश से आए सैंकड़ो जमाती भी शामिल थे |  मरकज में हजारों जमातियों की जानकारी मिलने के बाद सरकार ने कड़ा रुख अपनाते हुए हजारों जमातियों को सख्ती से बाहर निकाला था  | इन जमातियों की जांच कराने पर सैंकड़ों में कोरोना संक्रमण का खुलासा हुआ था |  दिल्ली पुलिस द्वारा मौलाना साद के खिलाफ मामला दर्ज किए जाने के बाद गिरफ्तारी के डर से मौलाना फरार हो गया था  |  इस बीच दिल्ली पुलिस द्वारा मौलाना के घर पर दो बार शोकॉज नोटिस भी भेजा गया |  जिसमें से एक का जवाब सामने आया |  हालांकि साद के खुद Quarantine होने की बात भी सामने आई  | केंद्र और राज्य सरकारों की लगातार अपील के बावजूद भी अब तक हजारो जमाती सामने नहीं आए हैं   |  इसके बाद केंद्र ने सख्ती दिखाते  हुए मौलाना साद के खिलाफ  गैरइरादतन हत्या की धारा भी लगा दी है  और  सभी  2000 जमातियों को लुकआउट नोटिस भी जारी कर दिया है | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 April 2020

 Song on korana

बहुत टेढ़ा है कोरोना न जाने किस पर आएगा   कोरोना संकट काल में बड़े बड़े नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं |  ऐसे में बच्चे बड़ों को कई सीख दे कर सावधान भी कर रहे हैं |  शिवपुरी की  जिज्ञासा शर्मा  का गीत बहुत टेढ़ा है कोरोना न जाने किस पर आएगा  भी लोगों को अलर्ट कर रहा है |  प्रधानमंत्री मोदी ने लॉक डाउन को बढ़ाया उसके बाद  शिवपुरी के शिक्षा निकेतन में कक्षा नौ में पढ़ने वाली  जिज्ञासा शर्मा ने कोराना पर एक गाना गया |  है अपना दिल तो आवारा की तर्ज पर जिज्ञासा कोरोना से सावधान करती हुई कह रही हैं कि  बहुत टेढ़ा है कोरोना न जाने किस पर आएगा | जिज्ञासा के इस गीत को उनको  उनके भाई  यशवर्धन  ने शूट किया जिज्ञासा के गीत  का ये वीडियो अब वायरल हो रहा है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 April 2020

 LOCK DWON  MODI

कोरोना से निपटने बढ़ सकता है लॉकडाउन   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  सर्वदलीय बैठक में लॉकडाउन बढ़ने के संकेत दिए  |  पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लंबी लड़ाई जरुरी है.| सभी की जिंदगी बचाना सरकारी की प्राथमिकता है |  प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में स्थिति 'सामाजिक आपातकाल' के समान है |  इसके लिए कड़े फैसलों की जरूरत है और हमें निरंतर सतर्क रहना चाहिए. | साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि मैं एक बार फिर सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात करूंगा |  उसके बाद लॉक डाउन पर फैसला होगा |  कोरोना वायरस और लॉकडाउन को लेकर पीएम मोदी ने आज राजनीतिक पार्टियों के फ्लोर लीडर्स के साथ बातचीत की |  वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए पीएम मोदी ने बीजेपी, कांग्रेस, डीएमके, एआईएडीएमके, टीआरएस, सीपीआईएम, टीएमसी, शिवसेना, एनसीपी, अकाली दल, एलजेपी, जेडीयू, एसपी, बीएसपी, वाईएसआर कांग्रेस और बीजेडी के फ्लोर लीडर्स के साथ कोरोना और लॉकडाउन पर चर्चा की. | बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि राज्य, जिला प्रशासन और विशेषज्ञों ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन के विस्तार का सुझाव दिया है |   उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के कारण हम गंभीर आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रहे हैं और सरकार इससे निपटने के लिए प्रतिबद्ध है | 80 फीसदी राजनीतिक पार्टियां लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में हैं |  पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें राज्यों से इसी तरह की मांग मिल रही है और वह उचित समय में हितधारकों के साथ चर्चा करके निर्णय लेंगे  |    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 April 2020

 Jamaat Corona

बदतमीजियों से बाज नहीं आ रहे जामात के लोग   देश में कोरोना संक्रमण को फैलाने वाले तब्लीगी जमात के लोग अपनी बद्त्तमीजियों से बाज नहीं आ रहे हैं |  क्वारंटाइन सेंटर में खुले में शौच करने के बाद अब ये लोगों पर पेशाब से भरी बोतलें फैंक रहे हैं |  कोरोना संक्रमण को बढ़ाने वाले तब्लीगी जमात के लोगों की हरकतें  थमने का नाम नहीं ले रही हैं  | ताजा मामला दिल्ली के द्वारका का है  |  यहां एक आइसोलशन सेंटर में जमात के लोगों को रखा गया है, जिनमें कोरोना वायरस के संकेत मिले हैं  |  बुधवार सुबह इस आइसोलेशन सेंटर से पेशाब से भरी बोतलें फेंकी गईं |  इनकी पूरी हरकत वीडियो में कैद हो गई है |  साफ दिखाई दे रहा है कि गोल टोपी पहने एक शख्स बालकनी में आता है और बोतलें फेंकता है | पुलिस ने बोलतें जब्त कर ली हैं  | इससे पहले दिल्ली के ही एक अन्य क्वारंटाइन सेंटर में जमातियों द्वारा खुले आम शौच करने का मामला सामने आया था | निजामुद्दीन स्थित  तब्लीगी जमात  की लापरवाही के कारण देश में कोरोना वायरस का विस्फोट हो गया है |  स्थिति यह है कि इन लोगों को खोज-खोज कर इलाज किया जा रहा है, लेकिन शांति से इलाज करवाने के बजाए ये डॉक्टरों और नर्सों के साथ बदसलूकी कर रहे हैं  | देश के अलग-अलग शहरों से जमातियों द्वारा नर्सों से बदसलूकी, बिना कपड़ों से खुले आम घुमने जैसी खबरें आ चुकी हैं  |  ऐसे कुछ जमातियों पर केस भी दर्ज किया गया है |     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 April 2020

 Lock down

कई मुख्यमंत्रियों ने कहा लॉक डाउन बढ़ाया जाए   कोरोना वायरस के कारण लगाए गए 21 दिन के लॉकडाउन को केंद्र सरकार बढ़ा सकती है. | कई प्रदेश सरकारों ने लॉकडाउन को बढ़ाने का सुझाव  केंद्र सरकार को दिया है |  क्योंकि लॉक डाउन के बाद भी  कोरोना मरीजों की संख्या  कम होने के बजाये बढ़ी है  | कई एक्सपर्ट्स ने भी लॉकडाउन को और कुछ हफ्तों के लिए बढ़ाने की बात कही है. |  ऐसे में  केंद्र सरकार भी लॉकडाउन को बढ़ाने पर विचार कर रही है |  कोरोना वायरस के बढ़ते हुए प्रकोप को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन के संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान किया था, जो 14 अप्रैल को खत्म हो रहा है |   इस बीच कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है |  पिछले तीन दिनों कोरोना के हजार से अधिक मामले आए हैं और दो दर्जन से अधिक लोगों की मौत हुई है |  फिलहाल, भारत में तकरीबन साढ़े चार हजार  कोरोना मरीज हैं, जिसमें से 114 की मौत हो चुकी है |  मध्यप्रदेश  ,महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली समेत कई प्रदेशों में मरीजों की संख्या अचानक बढ़ी है | तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने केंद्र सरकार को सुझाव दिया था कि लॉकडाउन को और दो हफ्तों के लिए बढ़ा दिया जाए | केसीआर ने जिस रिपोर्ट के आधार पर यह सुझाव दिया था, उसमें 2 जून तक लॉकडाउन लागू करने की अपील की गई थी |  इसके बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि लॉकडाउन को तुरंत नहीं हटाया जाना चाहिए | इसको चरणबद्ध तरीके से हटाया जाना चाहिए |  सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि केंद्र सरकार को राज्य सरकारों को लॉकडाउन हटाने और लगाने का अधिकार देना चाहिए | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 April 2020

 CM Yogi Adityanath

15 अप्रैल से खुल जाएगा लॉक डाउन   उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की माने  तो 15 अप्रेल से लोक डाउन खुल जाएगा  | मुख्यमंत्री योगी ने इस मामले को लेकर अपने सभी विधायकों और मंत्रियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये दिशा निर्देश दिए हैं  |  उत्तर प्रदेश में लॉक डाउन 15 अप्रैल से खुल  सकता है  | लॉक डाउन खुलने के बाद की स्थितियों को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सभी विधायकों को  दिशा  निर्देश दिए |  योगी ने कहा 15 अप्रैल से  लॉक डाउन खुलने  पर सभी ज़िम्मेदार लोगो की ज़िम्मेदारी और बढ़ जाएगी  कि भीड़ ना लगे  लोग सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखें  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 April 2020

 Lice medicine in corona

48 घंटे में खत्म हो सकता है कोरोना वायरस   कोरोना वायरस  को लेकर भारत समेत विभिन्न देशों में इसका इलाज खोजने के लिए प्रयोग हो रहे हैं  | इस बीच, ऑस्ट्रेलिया से बड़ी खबर आई है  |  एक रिपोर्ट  में यहां दावा किया गया है कि सिर की जूं मारने की दवा से कोरोना वायरस को 48 घंटों में समाप्त किया जा सकता है  |  मोनाश बायोमेडिसिन डिस्कवरी इंस्टिट्यूट मेलबर्न स्थित मोनाश यूनिवर्सिटी का हिस्सा है |  डॉ. कायली वागस्टाफ के अनुसार, कोरोना वायरस की अभी कोई दवा उपलब्ध नहीं है  | ऐसे में नई दवा खोजने के बजाए हम उपलब्ध दवाओं का मिश्रण बनाकर उपयोग करें तो लोगों को जल्दी फायदा मिल सकता है   जब तक कोरोना की वैक्सिन नहीं बन जाती, इस तरह इलाज किया जा सकता है |  एंटी-पैरासाइटिक दवाएं परजीवी से होने वाली बीमारियों के इलाज में काम आती है  | परजीवी रोधी यह दवा एचआइवी, डेंगू, इंफ्लुएंजा और जीका वायरस के खिलाफ पहले ही प्रभावी पाई जा चुकी है  | डॉ. कायली वागस्टाफ का कहना हैं कि जूं मारने के लिए   इवरमेक्टिन  नामक दवा का उपयोग होता है  | द सन में प्रकाशित रिपोर्ट में मोनाश बायोमेडिसिन डिस्कवरी इंस्टिट्यूट के डॉ. कायली वागस्टाफ का कहना हैं कि जूं मारने के लिए   इवरमेक्टिन  नामक दवा का उपयोग होता है |  हमने पाया है कि इस दवा का एक डोज ही कोरोना वायरस को खत्म कर देता है |  दवा लेने के 24 घंटे बाद वायरस का असर खत्म होना शुरू होता है और 48 घंटे में पूरी तरह समाप्त हो जाता है | एंटीवायरल रिसर्च पत्रिका में यह अध्ययन प्रकाशित हुआ है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 April 2020

 Lice medicine in corona

48 घंटे में खत्म हो सकता है कोरोना वायरस   कोरोना वायरस  को लेकर भारत समेत विभिन्न देशों में इसका इलाज खोजने के लिए प्रयोग हो रहे हैं  | इस बीच, ऑस्ट्रेलिया से बड़ी खबर आई है  |  एक रिपोर्ट  में यहां दावा किया गया है कि सिर की जूं मारने की दवा से कोरोना वायरस को 48 घंटों में समाप्त किया जा सकता है  |  मोनाश बायोमेडिसिन डिस्कवरी इंस्टिट्यूट मेलबर्न स्थित मोनाश यूनिवर्सिटी का हिस्सा है |  डॉ. कायली वागस्टाफ के अनुसार, कोरोना वायरस की अभी कोई दवा उपलब्ध नहीं है  | ऐसे में नई दवा खोजने के बजाए हम उपलब्ध दवाओं का मिश्रण बनाकर उपयोग करें तो लोगों को जल्दी फायदा मिल सकता है   जब तक कोरोना की वैक्सिन नहीं बन जाती, इस तरह इलाज किया जा सकता है |  एंटी-पैरासाइटिक दवाएं परजीवी से होने वाली बीमारियों के इलाज में काम आती है  | परजीवी रोधी यह दवा एचआइवी, डेंगू, इंफ्लुएंजा और जीका वायरस के खिलाफ पहले ही प्रभावी पाई जा चुकी है  | डॉ. कायली वागस्टाफ का कहना हैं कि जूं मारने के लिए   इवरमेक्टिन  नामक दवा का उपयोग होता है  | द सन में प्रकाशित रिपोर्ट में मोनाश बायोमेडिसिन डिस्कवरी इंस्टिट्यूट के डॉ. कायली वागस्टाफ का कहना हैं कि जूं मारने के लिए   इवरमेक्टिन  नामक दवा का उपयोग होता है |  हमने पाया है कि इस दवा का एक डोज ही कोरोना वायरस को खत्म कर देता है |  दवा लेने के 24 घंटे बाद वायरस का असर खत्म होना शुरू होता है और 48 घंटे में पूरी तरह समाप्त हो जाता है | एंटीवायरल रिसर्च पत्रिका में यह अध्ययन प्रकाशित हुआ है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 April 2020

 Corona vaccine in july

जुलाई तक होगा मानव पर परीक्षण   कोरोना वायरस महामारी का संक्रमण पूरी दुनिया में तेजी से फैल रहा है  |   भारत में भी इस जानलेवा वायरस से करीब 3 हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं  ऐसे में इस वायरस की रोकथाम के लिए दुनियाभर के डॉक्टर और वैज्ञानिक वैक्सीन बनाने में जुटे हैं |  भारत में कोरोना वायरस का टीका  तैयार करने की शुरुआत हो चुकी है  | देश की बायो टेक्नोलॉजी कंपनी भारत बायोटेक ने विस्कॉन्सिन यूनिवर्सिटी और दवाई कंपनी फ्लूजेन के वायरोलॉजिस्टों की मदद से कोरोना वायरस की वैक्सीन कोरोफ्लू  का परीक्षण शुरू कर दिया है  |  कोरोना के टीके  कोरोफ्लू  का परीक्षण अमेरिका में पशुओं पर शुरू हो गया है  |  अनुमान लगाया जा रहा है कि अगले 3 महीने यानि जुलाई तक मनुष्य पर इसका परीक्षण शुरू हो जाएगा  |  यदि अमेरिका में वैक्सीन का परीक्षण सफल होता है तो इसकी सुरक्षा मानकों की मंजूरी लेने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा |   अमेरिका में सुरक्षा मानकों पर मंजूरी मिलने के बाद इस वैक्सीन को लॉन्च कर दिया जाएगा |  देश का पहला टीका है जो कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने का काम करेगा |  वायरस से बचाने के लिए  इसे  नाक में डाला जाएगा  |  ये दावा किया जा रहा है कि दवा इतनी प्रभावी है कि सामान्य फ्लू होने पर भी इसका इस्तेमाल हो सकेगा | भारत बायोटेक के बिजनेस डेवलपमेंट प्रमुख डॉ. चेस एला ने बताया कि भारत बायोटेक की ओर से वैक्सीन तैयार की जा रही है और इसका नैदानिक परीक्षण किया जाएगा  |  वैश्विक वितरण के लिए वैक्सीन की लगभग 30 करोड़ खुराक तैयार करने के लिए भी कंपनी तैयार है |  सहयोग-समझौते के तहत दवाई कंपनी फ्लूजेन अपनी मौजूदा विनिर्माण प्रक्रियाओं को भारत बायोटेक को हस्तांतरित करेगी |  इसके बाद हमारी कंपनी इसके उत्पादन में वृद्धि करने का काम करेगी  |  फिलहाल इसका परीक्षण अमेरिका में जानवरों पर हो रहा है |  उम्मीद है कि करीब 3 महीने बाद यानि जुलाई तक मानव पर परीक्षण के लिए ये वैक्सीन उपलब्ध होगी  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 April 2020

 PM NARENDRA MODI

पांच अप्रेल को कोरोना के अंधकार को चुनौती देनी है   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से  कहा, कोरोना वायरस ने हमारी आस्था, परंपरा, विश्वास, विचारधारा पर हमला बोला है  |  हमें इन्हें बचाने के लिए सबसे पहले कोरोना वायरस को परास्त करना है |  मोदी ने  कहा कि 5 अप्रैल  को रात नौ बजे घर की सभी लाइट्स बंद करके दीपक, मोम बत्ती या मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाएं  | 9 मिनट तक ऐसा करना है |  यह प्रकाश उजागर करेगा कि कोरोना के खिलाफ हम सब मिलकर लड़ रहे हैं  |  कोरोना के खिलाड़ लड़ाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम लोगों से एकजुट होने की अपील की और कहा  5 अप्रैल  को रात नौ बजे घर की सभी लाइट्स बंद करके दीपक, मोम बत्ती या मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाएं  |  9 मिनट तक ऐसा करना है  |  यह प्रकाश उजागर करेगा कि कोरोना के खिलाफ हम सब मिलकर लड़ रहे हैं  | मोदी ने कहा आपने जिस प्रकार 22 मार्च रविवार के दिन कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाले हर किसी का धन्यवाद किया वो भी आज सभी देशों के लिए एक मिसाल बन गया है  | आज कई देश इसको दोहरा रहे हैं  | ये लॉकडाउन का समय जरूर है, हम अपने अपने घरों में जरूर हैं, लेकिन हम में से कोई अकेला नहीं है | 130 करोड़ देशवासियों की सामूहिक शक्ति हर व्यक्ति के साथ है, हर व्यक्ति का |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 April 2020

 Shaheen bagh

कई शहरों में  CAA विरोधी धरने खत्म   कोरोना के चलते वैसे ही शाहीन बाग़ में प्रदर्शन से लोग गायब होना शुरू हो गए थे  | अब शाहीन बाग के साथ ही दिल्ली पुलिस ने राजधानी के दूसरे हिस्सों में चल रहे धरनों को भी खत्म करा दिया |  जामिया यूनिवर्सिटी के बाहर भी रोड खाली करा दिया गया |   इसके अलावा जाफराबाद, तुर्कमान गेट और हौजरानी का धरना भी पुलिस ने खत्म करा दिया |  लंबे समय से देशभर में चले आ रहे ये सीएए विरोधी धरने कोरोना वायरस के कारण खुद ही ख़त्म हो गए जो बचे थे उन्हें महामारी के अलर्ट के बीच खत्म करा दिया गया है |  कोरोना वायरस की महामारी से भारत समेत पूरी दुनिया परेशान है | दुनिया की करीब दो अरब आबादी फिलहाल लॉकडाउन में है |   कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के मद्देनजर लगभग पूरे भारत में भी लॉकडाउन लागू कर दिया गया है |   इस बीच नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में जो धरने प्रदर्शन महीनों से चल रहे थे, वो भी फिलहाल खत्म कराए जा रहे हैं | हालाँकि इनमे से कई धरने अपने आप ही ख़त्म हो गए थे |  सीएए-एनआरसी के खिलाफ  चर्चा का केंद्र बना शाहीन बाग की महिलाओं का धरना भी 24 मार्च की सुबह सवेरे खत्म हो गया |  पुलिस और सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद जब महिलाओं ने खुद धरना खत्म नहीं किया तो मंगलवार की सुबह भारी सुरक्षाबल शाहीन बाग पहुंचा और टेंट हटा दिया |   इस तरह 15 दिसंबर से चला आ रहा इस धरने का फिलहाल अंत हो गया | अच्छी बात ये रही कि पुलिस शांतिपूर्ण तरीके से इस धरने को खत्म कराने में सफल रही |  शाहीन बाग के साथ ही दिल्ली पुलिस ने राजधानी के दूसरे हिस्सों में चल रहे धरनों को भी खत्म करा दिया |  जामिया यूनिवर्सिटी के बाहर भी रोड खाली करा दिया गया |  इसके अलावा जाफराबाद, तुर्कमान गेट और हौजरानी का धरना भी पुलिस ने खत्म करा दिया |   दिल्ली के शाहीन बाग का धरना खत्म होने से अलावा देश के बाकी हिस्सों में इसी तर्ज पर चल रहे विरोध प्रदर्शनों का भी फिलहाल अंत हो गया है |   यूपी के देवबंद से लेकर अलीगढ़ और प्रयागराज के धरनास्थल को खाली करा लिया गया है|  मुंबई और लखनऊ में भी शाहीन बाग की तर्ज पर हो रहा विरोध प्रदर्शन खत्म हो गया है |     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 March 2020

 CORONA VIRUS WHO

कहा- पोलियो की तरह कर सकता है खत्म Civid-19 को हल्के में लेना जानलेवा   विश्व स्वास्थ्य संगठन  ने स्पष्ट शब्दों में चेतावनी दी कि कोविड-19 महामारी के प्रसार में तेजी आ रही है  | हालांकि, अभी भी इसकी ट्रेजेक्टरी  को बदलना संभव है  | डब्ल्यूएचओ ने इस महामारी को रोकने के लिए उठाए जा रहे भारत सरकार के कदमों की सराहना की है  |  WHO ने कहा है कि पोलियो की तरह भारत इसे भी खत्म कर सकता है |  WHO के प्रमुख टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस ने  कहा कि कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आने के बाद उसका आंकड़ा एक लाख तक पहुंचने में 67 दिन लगे  |  जबकि एक लाख से बढ़कर दो लाख पहुंचने में 11 दिन और दो लाख से तीन लाख तक पहुंचने में सिर्फ चार दिन लगे  | इसका मतलब है कि सिर्फ चार दिनों में इसने 1 लाख लोगों को संक्रमित किया है  |  लेकिन हम असहाय नहीं हैं  |  हम अभी भी इस महामारी के बढ़ने की रफ्तार काबू कर सकते हैं  | इस महामारी से निपटने के भारत के प्रयासों की सराहना करते हुए डब्ल्यूएचओ के दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र के क्षेत्रीय आपात निदेशक डॉ. रोड्रिको ऑफ्रिन ने एक बयान जारी कर कहा कि कोविड-19 का प्रसार रोकने के लिए भारत व्यापक और मजूबत कदम उठा रहा है |  क्वारंटाइन और सोशल डिस्टेंसिंग से संबंधित उसकी ताजा घोषणाओं में प्रभावित जिलों में लॉकडाउन और रेल, अंतरराज्यीय बस व मेट्रो सेवाओं का स्थगन शामिल है  | इन कदमों से वायरस का संक्रमण धीमा करने में मदद मिलेगी  | WHO की दक्षिण-पूर्व एशिया की प्रमुख डॉ. पूनम खेत्रपाल सिंह ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 के अभी तक हवा में फैलने की रिपोर्ट नहीं है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 March 2020

 Parliament lockdown

लोकसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित   कोरोना वायरस के चलते संसद की कार्यवाही अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दी गई है | बजट सत्र का दूसरा चरण 3 अप्रैल तक चलना था, लेकिन कोरोना वायरस के कारण समय से पहले ही कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया. | इससे पहले लोकसभा में कोरोना कमांडोज के लिए सांसदों ने ताली बजाई | इसके अलावा वित्त विधेयक 2020 भी लोकसभा से आज पास हो गया |  कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए लोकसभा की कार्यवाही को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है | लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने इसकी घोषणा की |  कोरोना के खतरे को देखते हुए ये कदम उठाया गया  | संसद का बजट सत्र 3 अप्रैल तक चलना था, लेकिन समय से पहले कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया | कोरोना कमांडोज के लिए लोकसभा में सांसदों ने ताली बजाई. | लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने कहा कि कल हमने जो देखा वो भारत की आत्मा थी |  डॉक्टरों, सफाईकर्मियों, पुलिस, मीडिया ने जिस तरह से सेवाएं की उन सबका हम अभिवादन करते हैं. | राष्ट्रपति और उपराष्ट्रति ने ताली बजाकर अभिवादन जताया | स्पीकर ने कहा कि कई राज्यों के सीएम ने ताली बजाई |  इस मौके पर विपक्ष साथ आया | वित्त विधेयक 2020 बिना चर्चा के लोकसभा से पास हो गया है | लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने कहा कि सांसदों की बैठक में चर्चा हुई थी  कि वित्त विधेयक बिना चर्चा के पास होगा | कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने मांग कि करोना वायरस के कारण सरकार वित्तीय राहत का ऐलान करे |  अधीर रंजन ने कहा कि हिंदुस्तान में त्राहि-त्राहि मची हुई है | अभूतपूर्व स्थिति है | सब लोग उम्मीद कर रहे हैं कि सरकार की तरफ से वित्तीय सहयोग मिलेगा |    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 March 2020

 Corona Suprem Court

7 साल से कम सजा वालों को दें पैरोल   देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे के बीच सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला ले लिया है  | कोर्ट ने कहा है कि देशभर में मौजूद सभी जेलों में सजा काट रहे वे कैदी जिनकी सजा 7 साल से कम है उन्हें पैरोल दी जाए  |   सुप्रीम कोर्ट ने इस बड़े फैसले पर  सुनवाई के बाद आदेश देते हुए कहा कि राज्य सरकारें इसे लेकर हाई पॉवर कमेटी का गठन करें | इस समिति में लॉ सेकेट्ररी, राज्य लीगल सर्विस ऑथोरिटी के चैयरमैन, जेल के डीजी को शामिल किया जाए  |  ये कमेटी तय करेगी कि 7 साल की सज़ा वाले मामलो में किन सजायाफ्ता दोषियो और अंडर ट्रायल कैदियों को पैरोल या अन्तरिम ज़मानत पर छोड़ा जा सकता है  | गौरतलब है कि कोर्ट ने इस मामले में खुद ही संज्ञान लिया है |  कोर्ट ने कहा है कि देशभर में मौजूद सभी जेलों में सजा काट रहे वे कैदी जिनकी सजा 7 साल से कम है उन्हें पैरोल दी जाए | कोर्ट ने कैदियों को 6 हफ्ते के लिए पैरोल देने का कहा है |  कोर्ट द्वारा जारी किए गए इस फैसले से जेलों में मौजूद हजारों कैदियों को पैरोल मिलने का रास्ता साफ हो गया है   कोरोना का खतरा दिन पर दिन बढ़ रहा है, देश में अब तक तक़रीबन सवा चार सौ  मामले सामने आ चुके हैं, वहीं 8 लोगों की मौत हो चुकी है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 March 2020

 PM NARENDRA MODI

मोदी बोले-कोरोना को गंभीरता से नहीं ले रहे लोग     कोरोना वायरस के खिलाफ भारत में जबरदस्त जंग जारी है |  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर रविवार को पूरे देश में जनता कर्फ्यू लगाया गया |  इसके बाद देश के उन हिस्सों में Lockdown कर दिया गया है, जहां कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं | इसी Lockdown को लेकर पीएम मोदी ने सोमवार को एक ट्वीट किया |  उन्होंने लिखा - Lockdown को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं  |  कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें  |  राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं  |  रविवार को पूरे देश में जनता कर्फ्यू लगा था, लेकिन शाम बजे बाद कुछ शहरों से जश्न की तस्वीरें सामने आईं |  पीएम ने इसी को गलत बताया है |  ऐसा ही एक वीडियो मध्यप्रदेश के इंदौर से आया था  |  यहां शाम पांच बजते ही लोग थालियां और घंटियां बजाते हुए सड़कों पर निकल आए थे |  महिलाएं नाचते हुए ऐसे जश्न मना रही थीं, मानों कोई खुशी का मौका आ गया हो  | कोरोना वायरस से बचने का सबसे कारगर तरीका है सोशल डिस्टेंसिंग यानी खुद को दूसरे से अलग कर लेना  |  जनता कर्फ्यू इसी रणनीति का हिस्सा था, ताकि लोग एक दूसरे से दूर रहें, लेकिन कुछ लोगों ने इसको नहीं समझा  | इंदौर की तर्ज पर अहमदाबाद और कानपुर से भी वीडियो आए थे, जिसमें भीड़ जुलूस के रूप में सड़कों पर निकली हुई है  | माना जा रहा है कि पीएम मोदी ने इन्हीं वीडियो को देखने के बाद यह संदेश दिया है | मोदी ने कहा उन्होंने लिखा - Lockdown को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं  |  कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें  | राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 March 2020

 PM NARENDRA MODI

मोदी बोले-कोरोना को गंभीरता से नहीं ले रहे लोग     कोरोना वायरस के खिलाफ भारत में जबरदस्त जंग जारी है |  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर रविवार को पूरे देश में जनता कर्फ्यू लगाया गया |  इसके बाद देश के उन हिस्सों में Lockdown कर दिया गया है, जहां कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं | इसी Lockdown को लेकर पीएम मोदी ने सोमवार को एक ट्वीट किया |  उन्होंने लिखा - Lockdown को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं  |  कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें  |  राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं  |  रविवार को पूरे देश में जनता कर्फ्यू लगा था, लेकिन शाम बजे बाद कुछ शहरों से जश्न की तस्वीरें सामने आईं |  पीएम ने इसी को गलत बताया है |  ऐसा ही एक वीडियो मध्यप्रदेश के इंदौर से आया था  |  यहां शाम पांच बजते ही लोग थालियां और घंटियां बजाते हुए सड़कों पर निकल आए थे |  महिलाएं नाचते हुए ऐसे जश्न मना रही थीं, मानों कोई खुशी का मौका आ गया हो  | कोरोना वायरस से बचने का सबसे कारगर तरीका है सोशल डिस्टेंसिंग यानी खुद को दूसरे से अलग कर लेना  |  जनता कर्फ्यू इसी रणनीति का हिस्सा था, ताकि लोग एक दूसरे से दूर रहें, लेकिन कुछ लोगों ने इसको नहीं समझा  | इंदौर की तर्ज पर अहमदाबाद और कानपुर से भी वीडियो आए थे, जिसमें भीड़ जुलूस के रूप में सड़कों पर निकली हुई है  | माना जा रहा है कि पीएम मोदी ने इन्हीं वीडियो को देखने के बाद यह संदेश दिया है | मोदी ने कहा उन्होंने लिखा - Lockdown को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं  |  कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें  | राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 March 2020

 Public curfew

दूरियां दूर करेंगी कोरोना वायरस को सही जानकारी दें  खौफ फैलाने से बचें   थोड़ी सी दूरियां कोरोना वायरस को आपसे दूर रख सकती हैं ऐसे में एक तरफ जनता कर्फ्यू है तो दूसरी ओर  पीएम नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से अपील की है कि वे कोरोना वायरस को लेकर सही सूचनाएं ही शेयर करें और गलत तरीके से खौफ  न फैलाएं |   पीएम ने एक के बाद एक कई ट्वीट करते हुए कहा कि लोग कोरोना वायरस पर सही सूचना साझा करें और गलत पैनिक फैलाने से बचें |  पीएम ने कहा कि लोगों को सही सूचना देने के लिए भारत सरकार ने एक व्हाट्सएप नंबर जारी किया है | पीएम ने कहा कि इस नंबर के जरिए लोग सही और भारत सरकार द्वारा प्रमाणित जानकारी हासिल कर सकेंगे |  देश की जनता ने स्वस्थ्य रहने के लिए जनता कर्फ्यू  का समर्थन कर ये कर्फ्यू शुरू कर दिया है |  पीएम नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से अपील की है कि वे कोरोना वायरस को लेकर सही सूचनाएं ही शेयर करें और गलत तरीके से खौफ  न फैलाएं |  प्रधानमंत्री ने कहा है कि +919013151515 नंबर संदेश भेज कर इस सेवा से जुड़ा जा सकता है | पीएम मोदी ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर की तारीफ की है. | पीएम ने कहा है कि ट्विटर ने COVID-19 नाम का एक विशेष पेज लॉन्च किया है |  इस पर कोरोना वायरस को लेकर प्रमाणित सूचना पाई जा सकती है. प्रधानमंत्री ने गूगल की तारीफ करते हुए कहा है कि ये टेक कंपनी भी अपनी तकनीक का इस्तेमाल करते हुए लोगों को जागरूक कर रही है |  गूगल ने कोरोना से जागरुक करने के लिए पांच चीजें करने को कहा है |  कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है. |  सभी सरकारें आम लोगों से सोशल डिस्टेंस मेंटेंन करने को कह रही है |  देश के विभिन्न हिस्सों में कोरोना वायरस  संक्रमण  के 50 नये मामले सामने आने के बाद ये संख्या पौने तीन  के आसपास हो  गई है |  जबकि संक्रमितों के संपर्क में आने वाले 6,700 से अधिक लोगों को कड़ी निगरानी में रखा गया है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 March 2020

 Train will not run

31 मार्च तक नहीं चलेगी कोई ट्रेन   कोरोना संक्रमण रोकने के लिए रेलवे बोर्ड की बैठक में लिया गया  एक बड़ा फैसला  ... अब देश में 31 मार्च तक कोई रेल नहीं चलेगी  |  कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए भारतीय रेल ने बड़ा फैसला लिया है. | इंडियन रेलवे ने 31 मार्च तक सभी यात्री ट्रेनों का परिचालन बंद करने का फैसला किया है |  रेलवे ने बताया है कि सभी लंबी दूरी की ट्रेनें, एक्सप्रेस और इंटरसिटी ट्रेन  का परिचालन 31 मार्च की रात 12 बजे तक बंद रहेगा |  रेलवे की ओर से जारी सूचना में बताया गया है कि रद्द ट्रेनों की सूची में कोलकाता मेट्रो, कोंकण रेलवे, उपनगरीय ट्रेनें नहीं चलेंगीं. | वैसी ट्रेनें जो 22 तारीख से 4 घंटे पहले चलनी शुरू हुई थीं, वो अपने गंतव्य स्थान तक जाएंगी |   रेलवे ने कहा है कि देश भर में आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई जारी रखने के लिए मालगाड़ियां चलती रहेंगी |  रेल यात्रियों को राहत देते हुए रेलवे ने टिकट कैंसिल करवाने पर कोई चार्ज नहीं लेने का फैसला लिया है. |  रेलवे ने कहा है कि यात्रियों को टिकट का पूरा पैसा वापस किया जाएगा |  रेलवे के मुताबिक इन टिकटों को कैंसिल करने के एवज में 21 जून तक पैसा लिया जा सकेगा |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 March 2020

  Hanging

सात साल बाद आखिर निर्भया को मिला न्याय   सात साल के लंबे इंतजार के बाद निर्भया को इंसाफ मिला | निर्भया के साथ दरिंदगी के मामले के चारों दोषियों को  फांसी दे दी गई है |  सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के दोषियों विनय कुमार शर्मा  | पवन कुमार गुप्ता |  मुकेश सिंह और अक्षय कुमार सिंह को शुक्रवार सुबह 5:30 बजे फांसी पर लटका दिया गया  इसके बाद लोगों ने अदालत के प्रति आभार व्यक्त किया और इस पर ख़ुशी जताई |  सात साल के लंबे इंतजार के बाद निर्भया  के मामले के चारों दोषियों को फांसी दे दी गई है  | जेल अधिकारियों ने इसकी पुष्टि  की। इन्हें दिल्ली के तिहांड जेल में फांसी दी गई | चार डेड बॉडी ले जाने के लिए दो एंबुलेंस बुलाई गई |  फांसी के पहले से जेल के बाहर भीड़ जमा हो गई थी  | चारों शव का हरिनगर में दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में पोस्टमार्टम  किया गया |  निर्भया के दोषियों ने फांसी से बचने के लिए हर कानूनी दांव पेंच अपनाया, लेकिन उन्हें शुक्रवार सुबह 5.30 बजे फांसी पर लटका दिया गया  |  मेरठ के पवन जल्लाद ने निर्भया के गुनहगारों को फांसी पर झुलाया  | इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों की फांसी टालने की याचिका शुक्रवार तड़के 3.40 बजे खारिज कर दी |  यानी फांसी के दो घंटे पहले तक निर्भया के दोषी अपनी सजा रोकने को हर कानूनी दांव पेंच का सहारा लेते रहे |  निर्भया की मां ने कहा, मेरी बेटी की आत्मा को अब शांति मिलेगी  |  सात साल की कानूनी लड़ाई के बाद उसे न्याय दिला पाई हूं |  इससे पहले  दोषियों की याचिका पर देर रात 2.30 बजे सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई  | कोर्ट ने तड़के 3.40 बजे याचिका खारिज कर दी  |  सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों की याचिका पर कहा कि आप बार-बार वही दलील दे रहे हैं जो हर स्टेज पर, हर कोर्ट में खारिज हो चुकी हैं  इस वारदात में छह लोग शामिल थे   | एक आरोपी राम सिंह ने 2013 में जेल में ही फांसी लगा ली थी, जबकि एक नाबालिग था जो सुधार गृह में रहने के बाद तीन साल पहले बाहर आ चुका है  | फांसी देने की कड़ी में सुप्रींटेंडेंट और डिप्टी सुप्रींटेंडेंट दोनों ने निर्भया के चारों दोषियों से मुलाकात कर की |  ठीक 3:15 बजे निर्भया के दोषियों को उनके सेल में जगा दिया  | दैनिक क्रियाकलाप के बाद उन्हें नहलाया गया  | इसके बाद उनकी इच्छा के अनुसार उन्हें चाय के साथ हल्का नाश्ता दिया गया  ... इसके बाद उन्हें सेल से बाहर फांसी घर की ओर ले जाया गया और फांसी दी गई  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 March 2020

 CORONA VIRUS

कोरोना  के अब तक  148 मामले सामने आए तेजी से अपने पैर पसार रहा है कोरोना वायरस   देश में कोरोना वायरस तेजी से पैर पसार रहा है हालांकि केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा उठाए गए त्वरित कदमों की वजह से अब तक स्थिति नियंत्रण में बनी हुई है |  लेकिन इस घातक वायरस के खतरे में फिलहाल कोई कमी नहीं आई है  |  हर दिन के साथ देश के अलग-अलग राज्यों में कोरोना संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं  |  अब तक देश के 16 राज्यों में कोरोना संक्रमित 148  मरीजों की पुष्टि हो चुकी है |  सबसे ज्यादा मरीज देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में मिले हैं  | इसके बाद केरल और अन्य राज्यों का नंबर आता है  |   अनदेखी से पैर पसार रहे कोरोना का  पश्चिम बंगाल में भी एक मरीज मिला है  | कोरोना वायरस देश के 16 राज्यों तक पहुंच गया है |  सबसे ज्यादा मरीज महाराष्ट्र में मिले हैं, यहां अब तक 39 मामले सामने आ चुके हैं |  वहीं पश्चिम बंगाल के अलावा 5 राज्यों में अब तक 1-1 मरीज में कोरोना वायरस की पुष्टि हो चुकी है   |  इसके बाद राज्य सरकारें एहतियातन कदम उठा रही हैं  | कोरोना वायरस तेजी से न फैले और इसकी रोकथाम हो सके इसके लिए देश के ज्यादातर राज्यों में स्कूल, कॉलेजों में छुट्टियां घोषित कर दी गई हैं  |  इसके साथ ही सिनेमाघरों, मॉल्स को बंद कर दिया गया है  | लोगों से सार्वजनिक स्थलों पर इकट्ठा न होने की अपील भी की जा रही है  | देश में इसे राष्ट्रीय आपदा भी घोषित कर दिया गया है  | चीन के वुहान शहर से इस खतरनाक वायरस की शुरुआत हुई थी और देखते ही देखते यह वायरस अब तक 162 से ज्यादा देशों को अपनी चपेट में ले चुका है |  हमारे यहाँ महाराष्ट्र  , केरल , हरियाणा , उत्तर प्रदेश ,कर्नाटक,दिल्ली ,लद्दाख |  तेलंगाना , राजस्थान  ,जम्मू कश्मीर  ,आंध्र प्रदेश ,ओडिशा , पंजाब  , तमिलनाडु   , उत्तराखंड ,पश्चिम बंगाल  | में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज मिले हैं |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 March 2020

 DIGVIJAY SINGH

बागी विधायकों से मिलने पहुंचे कांग्रेसी धरने पर बैठे दिग्विजय हिरासत में लिए गए बागी विधायक नहीं मिलना चाहते दिग्गी से   मध्यप्रदेश की सियासी नौटंकी बेंगलुरु में देखने को मिली जब पूर्व मुख्यमंत्री कांग्रेस के बागी विधायकों से मिलने पहुंचे और विधायकों ने उनसे मिलने से मना कर दिया |  इसके बाद दिग्विजय सिंह ने एमपी के मंत्रियों और कुछ विधायकों के  बागी विधायकों से मिलने की कोशिश की तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया तो वह  धरने पर बैठ गए |  इसके बाद पुलिस ने कोंग्रेसियों को हिरासत में ले लिया |  मध्य प्रदेश कांग्रेस के सीनियर नेता दिग्विजय सिंह अपनी पार्टी के बागी विधायकों से मिलने  बेंगलुरु पहुंचे, लेकिन  बागी  विधायकों ने उनसे मिलने से इंकार कर दिया  | जिसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और उनके साथ गए नेता धरने पर बैठ गए |  बेंगलुरु एयरपोर्ट पर पुलिस के साथ उनकी बहस भी हुई | गौरतलब है कि कांग्रेस के 16 बागी विधायक इस समय बेंगलुरु में हैं |  इस वजह से कमलनाथ सरकार पर संकट आ गया है |  बीजेपी आरोप लगा रही है कि कमलनाथ बहुमत साबित करें जबकि कमलनाथ का कहना है कि जब तक सोलह विधायकों को भोपाल नहीं लाया जाता तब तक फ्लोर टेस्ट नहीं हो सकता |  दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा कि बेंगलुरु में तो भाजपा की सरकार है |  यहां की पुलिस भाजपा सरकार के अधीन है |  मैं यहां गांधीवादी तरीके से अपने विधायकों से मिलने आया हूं |  मुझे तो भाजपा के राज में भी, उनकी पुलिस के बीच भी डर नहीं लग रहा है |  लेकिन भाजपा नेता कह रहे हैं कि विधायकों को डर है  | तो डर किससे है? खुद भाजपा से न? जब मध्यप्रदेश का सियासी ड्रामा बेंगलुरु में चल रहा था |  तभी कांग्रेस के बागी विधायकों के वीडियो मैसेज आये कि वे बंधक नहीं हैं और वे दिग्विजय सिंह से मिलना भी नहीं चाहते हैं |  इन विधायकों और हटाए गए मंत्रियों ने साफ़ कहा कि आज मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार की जो दशा है इसके लिए खुद दिग्विजय सिंह जिम्मेदार हैं  | इन विधायकों ने उल्टा दिग्विजय सिंह को ही कटघरे में खड़ा कर दिया |  इस बीच  बेंगलुरु में धरने पर बैठे दिग्विजय सिंह का फोटो ट्वीटर पर शेयर करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने तंज कसा है विजयवर्गीय ने लिखा है, बेंगलुरु में नौटंकी |  हमारा सौभाग्य है कि ये माननीय राजनीति में है  | यदि बॉलीवुड में होते तो अमिताभ बच्चन जी को भी मात कर देते |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 March 2020

 Khajuraho memorial closed

देश विदेश से आये पर्यटक को लटके मिले ताले   कोरोना वायरस ना फैले और लोग सुरक्षित रहे |  इसके चलते खजुराहो में पर्यटक स्थल बंद कर दिए गए हैं  |  कोरोना वायरस से फैलने वाली महामारी को रोकने के लिए देश भर में 31 मार्च तक के लिए ऐसे स्थलों को बंद कर दिया गया है  | जहाँ लोगो का समूह इकठ्ठा होता हैं  |  कोरोना जैसी महामारी ख़त्म करने के लिए भारत सरकार हर संभव प्रयास कर रही हैं |  लोगो की भीड़ इकठ्ठी ना हो इसके लिए सभी पर्यटक स्थल बंद कर दिए गए हैं  | विश्व पयर्टक स्थल खजुराहों  के स्मारक भी  बंद कर दिये गये हैं | खजुराहों मे आये  देशी-विदेशी पर्यटक जब पश्चिमी मंदिर  देखने पहुंचे तो मुख्य द्वार पर ताला लटका मिला  |  बताया गया कि भारतीय पुरातत्व विभाग के सभी स्मारकों को कोरोना वायरस से फैलने वाली महामारी को रोकने हेतु देश भर में 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है |  खजुराहो घूमने आए 30 से 35 सदस्यीय गेटवाल आस्ट्रेलियन ग्रुप के सदस्यों ने निराशा जाहिर करते हुए खजुराहो के स्मारकों को देख न पाने पर अफसोस जताया  |  लेकिन कोरोना वायरस से फैलने वाली महामारी को रोकने वाले इस कदम का स्वागत करते हुए कहा कि जान है तो जहान है |  हम खजुराहो के स्मारक फिर कभी आकर घूम जाएंगे |  हालांकि विदेशी पर्यटकों के साथ देशी सैलानियों ने मतंगेश्वर महादेव मंदिर तथा वहीं से पश्चिमी मंदिर समूह के लक्ष्मण मंदिर सहित अन्य मंदिर देखे  | इस दौरान पर्यटक परिसर के बाहर से स्मारकों के फोटो और वीडियो बनाते नजर आए  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 March 2020

 Political crisis

सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों को  दिया नोटिस शिवराज सिंह ने राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन   मध्यप्रदेश में गहराते सियासी घमासान के बीच  सुप्रीम कोर्ट  ने इस मसले पर सभी पक्षों को नोटिस जारी किया है |  इधर अल्पमत की कांग्रेस सरकार प्रदेश में धड़ाधड़ नियुक्तियां कर रही है  | इसे रोकने के लिए बीजेपी ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा |  मुख्यमंत्री कमलनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह इस दौरान कांग्रेस विधायकों को अपने पक्ष में करने के जातन करते रहे | कांग्रेस सरकार फिलहाल फ्लोर टेस्ट को टालना चाहती है  |  एमपी के सियासी संग्राम में  भाजपा और उसके वकील जस्टिस चंद्रचूड़ की अदालत में समय पर पहुंच गए, लेकिन कांग्रेस की ओर से सीनियर वकील कपिल सिब्बल या कोई और भी नहीं पहुंचा  | सुनवाई शुरू होते ही मुकुल रोहतगी ने भाजपा का पक्ष रखा, लेकिन दूसरे पक्ष की ओर दलील देने के लिए कोई नहीं था |  इस पर जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा कि क्यों ने अगले दिन 10.30 बजे का समय दिया जाए  |  इस पर मुकुल रोहतगी ने आपत्ति ली और कहा कि यह मामला अत्यंत गंभीर है  | क्योंकि मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार अल्पमत में है  | जजों ने उनकी बात सुनी और 24 घंटे बाद सुनवाई का आदेश जारी कर दिया |  सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में मध्यप्रदेश विधानसभा स्पीकर और राजभवन के सचिवालय को भी नोटिस जारी किया  |  स्पीकर से पूछा गया है कि राज्यपाल के आदेश होने के बाद भी आपने फ्लोर टेस्ट न करवाते हुए विधानसभा की कार्रवाई 26 मार्च तक के लिए स्थगित क्यों कर दी |  इसी दौरान बेंगलुरू में बैठे कांग्रेस के 22 बागी विधायकों की याचिका पर भी सुनवाई हुई  | इनकी याचिका में कगा गया था कि यदि 6 मंत्रियों के इस्तीफे स्वीकार किए जा सकते हैं, तो बाकी 16 के क्यों नहीं  |  सुप्रीम कोर्ट ने  इस मसले पर डाक से तो नोटिस भेजा ही है, इसकी कॉपी ईमेल और whatsapp के जरिए भी भेजी गई है    ... कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के बीच सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला लिया है  | दूसरी तरफ भोपाल में  मुख्यमंत्री कमलनाथ और  पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह विधायकों की घेराबंदी और अगली रणनीति बनाने में व्यस्त रहे |  बाइट -कमलनाथ या दिग्विजय सिंह कमलनाथ सरकार नंबर गेम में पिछड़ गई है इसलिए उसकी कोशिश फ्लोर टेस्ट को टालने की है | दूसरी और बीजेपी ने राज्यपाल लालजी टंडन को ज्ञापन सौंप कर  | अल्पमत कांग्रेस सरकार को नियुक्तियां करने से रोकने का निवेदन किया |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 March 2020

 MUNNALAL GOYAL

अपनी इच्छा से इष्टमित्रों के साथ बेंगलुरु  में हूँ   मुख्यमंत्री कमलनाथ जिन कांग्रेस विधायकों को अगवा करने का आरोप बीजेपी पर लगा रहे हैं वो बैंगलौर में पूरी मस्ती में हैं  | इन विधायकों ने उल्टा कमलनाथ के ऊपर आरोपों की झड़ी लगा दी  | इन विधायकों में से एक मुन्ना लाला गोयल का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे वो गाना गाते नजर आ रहे हैं  | कांग्रेस के बागी विधायक गोयल का कहना है  | वे ठीक हैं और अपने इष्ट मित्रों के साथ बेंगलुरु में  हैं  |  एमपी की अल्पमत कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री कमलनाथ कह रहे हैं कि बीजेपी उनके विधायकों को अगवा करके बेंगलुरु ले गई है  |  लेकिन इन बागी विधायकों ने कमलनाथ को ही कटघरे में खड़ा कर दिया है  | इन विधायकों में से एक ग्वालियर पूर्व से सिंधिया समर्थक विधायक  मुन्नालाल गोयल का बेंगलुरु से  बयान सामने आया है |  जिसमे वह कह रहे हैं कि अपनी इच्छा से अपने इष्टमित्रों के साथ बेंगलुरु में हूँ और  शीघ्र ग्वालियर लौटूंगा  |  पहले सुनिए मुन्नालाल गोयल को  |  मुख्यमंत्री कमलनाथ जो कह रहे हैं वह सरासर झूठ है ये मुन्नालाला गोयल की बात से साफ़ हो जाता है  |  कमलनाथ ने अपनी ही पार्टी के लोगों के साथ जो व्यवहार किया वे उसका खामियाजा भुगत रहे हैं  | इस बीच विधायक मुन्नालाला गोयल का एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है |  ये वीडियो भी बेंगलुरु के उसी रिसोर्ट का बताया जा रहा है जहाँ |  विधायक गोयल अपने साथी विधायकों के साथ रुके हैं  | बताया जाता है सभी विधायक एक दूसरे का मनोरंजन कर रहे हैं  ऐसे में गोयल मंच पर गाना गाते नजर आ रहे हैं  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 March 2020

 Rebel legislator

बागी विधायक :हम बंधक नहीं कमलनाथ सरकार में   कांग्रेस के बागी विधायकों ने  कमलनाथ और कमलनाथ सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया और कहा कि हम बंधक नहीं हैं और कमलनाथ सरकार से हमें खतरा है |  हमें पर्याप्त केंद्रीय सुरक्षा दी जाए तो हम भोपाल चले जाएंगे  | इन विधायकों ने कहा कमलनाथ की सरकार अल्पमत में है और अब उन्हें इस्तीफ़ा दे देना चाहिए  | विधायकों ने कमलनाथ सरकार को दलालों की सरकार भी कहा |  कांग्रेस के बागी विधायकों ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के दावों की हवा निकाल दी और उनको इस्तीफ़ा देने की सलाह दी है  | बेंगलुरु में सभी विधायकों साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनकी सरकार और अधिकारीयों को कटघरे में खड़ा किया  |  विधायकों ने साफ़ कहा कि  वह अपनी मर्जी से आएंगे  किसी ने भी हमें यहां बंधक नहीं बनाया है  |  सभी ने अपनी-अपनी बातें रखी और कहा कि सीएम कमलनाथ का पूरा ध्यान सिर्फ छिंदवाड़ा में विकास करने पर ही था, हमारे क्षेत्र की समस्या सुनने के लिए 15 मिनट का भी समय नहीं होता था |  कमलनाथ सरकार में मंत्री रही इमरती देवी ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया हमारे नेता है, उन्होंने हमें राजनीति करना सिखाया है |  मैं एक गरीब की बेटी हूं |   मैं हमेशा उनके साथ ही रहूंगी अगर वे कुएं में कूदते हैं तो भी|   गोविंद सिंह राजपूत का कहना था कि सीएम कमलनाथ के पास हमारी बात सुनने के लिए 15 मिनट का भी समय नहीं होता था  |  तो हम अपने क्षेत्र में विकास कराने के लिए किससे बात करते |  साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में हरदीपसिंह डंग ने कहा कि मंदसौर क्षेत्र से मैं विधायक हूं, किसानों के गोलीकांड के दौरान मैं वहीं था, राहुल गांधी आए लेकिन मुझे मिलने नहीं दिया  | सीएम के पास हमारे लिए दो मिनट का भी समय नहीं है  |  कांग्रेस कार्यकर्ता की कोई सुनवाई नहीं होती और सीएम भी हमारी नहीं सुनते  | डंग ने कहा कि यह दलालों की सरकार है, हमारे आवेदन पर कोई कार्रवाई नहीं होती थी, लेकिन अगर दलाल वहीं बात लेकर जाते तो उस पर कार्रवाई होती। उन्होंने कहा कि हमें यहां बंधक नहीं बनाया गया है। विधायक राजवर्धन सिंह दत्तीगांव ने कहा कि मेरे साथ धोखा हुआ, सीएम कमलनाथ मेरे क्षेत्र में कहकर आए थे कि आप विधायक को नहीं मंत्री को वोट दे रहे हैं  | मुझे कुछ नहीं बनाया गया |  राहुल गांधी ने भी हमारी बात नहीं सुनी  |  मैं लगातार सीएम कमलनाथ के लिए लड़ता रहा, लेकिन उन्होंने मेरे क्षेत्र पर कोई ध्यान नहीं दिया, मेरे साथ धोखा हुआ  | इस सरकार में सबसे सीनियर नेता बिसाहूलाल सिंह को छोड़रक सुभाष यादव के बेटे को मंत्री बनाया गया, जमुनादेवी के रिश्तेदार को मंत्री बनाया गया और भी नेताओं के रिश्तेदारों को मंत्री बनाया गया, यह सही नहीं था |  बिसाहूलाल सिंह ने कहा कि मैं 1987 से कांग्रेस विधायक हूं, मुझसे सीनियर विधानसभा में कोई विधायक नहीं है  |  जब मैं सीएम से बात करने जाता हूं तो बोलते हैं, चलो-चलो कल बात करेंगे   |  गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया पर अगर भोपाल में हमला हो सकता है तो हम पर भी हो सकता है | केंद्रीय सुरक्षा बल की उपस्थिति में हम शाम को ही भोपाल जा सकते हैं |  6 विधायकों के इस्तीफे मंजूर किए गए तो 16 के क्यों नहीं  | हम सभी उपचुनाव के लिए तैयार हैं  |   बेंगलुरू में मौजूद विधायकों ने मीडिया के सामने आकर कहा कि हमें यह सूचना मिली कि हमें बंधक बनाया गया है, लेकिन आप लोग देख सकते हैं कि यह बात गलत है, हम स्वतंत्र है और अपनी मर्जी से यहां है |  गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि जब चुनाव लड़ा गया तो दो चेहरे सामने लाए गए जिसमें कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया थे |  इसके बाद सिंधिया जी की जगह कमलनाथ को सीएम बनाया गया | सीएम बनने के बाद उनका व्यवहार बदल गया, हमारे विधानसभा क्षेत्र के लिए उन्होंने कोई पैसा नहीं दिया  |  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 March 2020

Number of victims increased

महाराष्ट्र और तेलंगाना में आए नए केस   भारत में कोरोना वायरस के केस तेजी से बढ़ रहे हैं | अब आंकड़ा 108 पहुंच चुका है |  इनमें से 11 मरीज ठीक हो गए हैं, जबकि दो लोगों की मौत हो गई है. | सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र से सामने आ रहे हैं | हालात को देखते हुए कई राज्यों ने कोरोना को महामारी घोषित कर दिया है तो कई शहरों में धारा 144 लगा दी गई है |  कोरोना कोलेकर केंद्र सरकार भी पूरी तैयारी कर रही है | लेकिन देश में कोरोना वायरस से पीड़ितों की संख्या बढ़ती जा रही है |  सार्क देशों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना को निपटाने पर चर्चा  की। वहीं, कोरोना ने पूरी दुनिया में कोहराम मचा रखा है | अमेरिका कोरोना के खौफ में है तो वहीं यूरोप में हालात अब चीन से ज्यादा खतरनाक हो गए हैं | हमारे यहाँ तेलंगाना में दो नए केस से हालात चिंताजनक हो गए हैं |   असम में स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए है | सभी स्कूल, कॉलेज, सिनेमा हॉल, जिम, स्विमिंग पूल राज्य में तत्काल प्रभाव से 29 मार्च तक बंद रहेंगे | आवश्यक सेवाओं का संचालन जारी रहेगा. बोर्ड परीक्षाएं पहले की तरह जारी रहेंगी | दिल्ली पुलिस आयुक्त ने अलग-अलग यूनिट में तैनात सभी डीसीपी और पुलिसकर्मियों को निर्देश दिया है कि वे कोरोना वायरस के संक्रमण से खुद को सुरक्षित रखने के लिए बार-बार सैनिटाइज़र का उपयोग करें और मास्क पहनें | महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं |  यहां संख्या बढ़कर 32 हो गई है.| जबकि तेलंगाना में भी कोरोना के नए केस सामने आए हैं और अब तक यहां तीन केस आ चुके हैं |   इस तरह पूरे भारत में कोरोना केस की संख्या 108 पहुंच गई है | केंद्र सरकार ने कोरोना को राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दिया है | अब राज्य आपदा कोष का इस्तेमाल कोरोना के खिलाफ कर सकेंगे | चार राज्यों ने कोरोना को महामारी घोषित किया है. इनमें राजधानी दिल्ली, हरियाणा, उत्तराखंड के साथ-साथ गुजरात भी शामिल है. |  दिल्ली में सन्नाटा पसर गया है. स्कूल-कॉलेज-यूनिवर्सिटी के साथ-साथ थियेटर सब बंद हैं |   जरूरत न होने पर लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी जा रही है  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 March 2020

 CORONA BHARAT

भारत में कोरोना के 10 मरीज हुए ठीक 2 की मौत   इस समय पूरी दुनिया में कोरोना वायरस की दहशत है  |  भारत में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित 85 पॉजिटिव मामले सामने  आये  हैं. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक इन 85 संक्रमित मामलों में 10 लोगों का इलाज भी किया जा चुका है | वे अब ठीक हैं |  73 मरीजों का इलाज चल रहा है |  जबकि दो लोगों की कोरोना वायरस के कारण मौत हो गई है |  देश और दुनिया में कोरोना वायरस का प्रकोप देखने को मिल रहा है |  कोरोना वायरस के कारण दुनिया में 5 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.| वहीं भारत में भी अब तक 2 लोग कोरोना वायरस के कारण जान गंवा चुके हैं |  हालांकि कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का इलाज भी किया जा रहा है. भारत में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित 85 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं | स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक इन 85 संक्रमित मामलों में 10 लोगों का इलाज भी किया जा चुका है |  वहीं अभी 73 लोगों का इलाज चल रहा है | भारत में कोरोना वायरस के कारण पहली मौत कर्नाटक के 76 वर्षीय एक व्यक्ति की हुई थी. | वहीं कोरोना वायरस के कारण दूसरी मौत दिल्ली में 69 वर्षीय महिला की हुई | कोरोना वायरस के लक्षण मिलने के बाद महिला को दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था   देश के कई राज्यों ने इसे महामारी माना है और स्कूल ,कॉलेज और सिनेमाघर बंद कर दिए हैं  | पूरा देश अलर्ट पर है  | वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना वायरस के खतरे को नेशनल इमरजेंसी घोषित कर दिया है |  इसी के साथ ही ट्रंप प्रशासन ने इस खतरनाक संक्रमण से निपटने के लिए अभूतपूर्व आर्थिक और वैज्ञानिक उपायों का सहारा ले लिया है | ट्रंप ने कहा कि उनके इस एक्शन से कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ने के लिए 50 अरब डॉलर का फंड मिल जाएगा |  ट्रंप ने कहा कि अमेरिका की केंद्रीय, क्षेत्रीय और स्थानीय एजेंसियां कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए इस फंड का इस्तेमाल करेंगी |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 March 2020

 SCHOOL BAND

MP UP और छत्तीसगढ़ में भी स्कूल  हुए बंद   कोरोना वायरस की वजह से  MP, UP सगतीसगढ़ सहित 11 राज्यों में स्कूल,कॉलेज फिलहाल बंद कर दिए गए हैं  |  कोरोना के तेजी से फैलने के कारण    देश में इमरजेंसी जैसे हालात पैदा हो गए हैं |   केंद्र और राज्य सरकार मिलकर इस खतरनाक वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगातार कड़े कदम उठा रहीं हैं  |  भारत सरकार ने जहां विदेशी नागरिकों के भारत आने पर रोक लगाते हुए सभी टूरिस्ट वीजा को 15 अप्रैल तक रद्द कर दिया है, वहीं कई राज्यों ने तो  कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर दिया है |  जिन राज्यों में कोरोना वायरस के मरीज सामने आए हैं वहां सरकार लोगों को एक साथ इकठ्ठा न होने की सलाह दे रही है, वहीं देश के लगभग एक दर्जन राज्यों ने स्कूल कॉलेजों में छुट्टियां घोषित कर दी हैं |  वहीं कुछ राज्यों ने मॉल्स, सिनेमाघरों को भी बंद कर दिया है    सरकार द्वारा एडवाइजरी जारी की गई है कि लोग एक साथ इकठ्ठा न हों क्योंकि संक्रमित बीमारी होने की वजह से कोरोना वायरस के तेजी से फैलने का खतरा बढ़ सकता है |  यही वजह है कि अब तक  देश की राजधानी दिल्ली सहित उत्तर प्रदेश, हरियाणा, बिहार, उत्तराखंड, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, ओडिशा, जम्मू कश्मीर और लद्दाख में स्कूलों और कॉलेजों की छुट्टियां घोषित कर दी गई हैं  |  किसी राज्य में 31 मार्च तो किसी राज्य में 22 मार्च तक छुट्टियां घोषित की गईं हैं  |  कुछ राज्यों में इसे अनिश्चितकाल के लिए घोषित किया गया है  | देश में कोरोना वायरस के खतरे के बीच हरियाणा पहला राज्य है जिसने इसे महामारी घोषित कर दिया है  |  इसके बाद उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा भी इसके खतरे को देखते हुए कोरोना वायरस को महामारी घोषित किया गया है  |  हिमाचल प्रदेश और कर्नाटक में भी इसे महामारी घोषित कर दिया गया है |     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 March 2020

 AMAR SINGH

कांग्रेस का सिंधिया वंश के साथ छलावे का खुलासा   राजनीति में घटने वाली बड़ी घटनाओं के साक्षी राजनेता अमर सिंह काफी समय से बीमार हैं  |  वे सिंगापूर के अस्पताल में हैं उनकी सर्जरी हुई हैं |  मगर देश प्रदेश की राजनीति में होने वाली एक एक घटना पर अपनी नजर बनाये हुए हैं  | अमर सिंह ने सिंगापूर के अस्पताल के बैड से एक वीडियो जारी किया हैं जिसकी शुरुआत उन्होंने देश वासियों को होली की बधाई देकर की हैं  | अमर सिंह ने इस  वीडियों में कांग्रेस  की  सिंधिया वंश  के साथ धोखे की पोल खोल कर रख दी हैं  |  अमर सिंह वो नेता हैं  जिन्होंने अपनी पूरी जिंदगी सिर्फ राजनीति की हैं  | वे राजनीति के हर दाव-पेंच बड़ी ही बारीकी से समझते हैं  |  उन्होंने अपने लम्बे राजनैतिक सफर में कई सरकार बनते बिगड़ते देखीं  हैं  | वे समाजवादी पार्टी से राज्यसभा मेंबर रहे  | वे राष्ट्रीय लोक दाल में भी रहे  |  इसके अलावा अमर सिंह के कई राजनेताओं से गहरे सम्बन्ध भी हैं  | अभी हाल ही में मध्यप्रदेश की राजनीति में जो भूचाल आया हैं |  वे उससे खासे व्यथित नजर आये और एक वीडियों जारी करके उन्होंने बताया हैं की कैसे कोंग्रस ने बार - बार सिंधिया परिवार को छला हैं  | अभी जो सरकार संकट में हैं उसके लिए अमर सिंह ने कमलनाथ और दिग्विजय को दोषी बताया हैं  |  सिंगापुर के अस्पताल से अमरसिंह  ने मध्यप्रदेश की राजनीति पर यह बड़ा खुलासा किया हैं |  उन्होंने कहा की सिंधिया परिवार से मेरे पारिवारिक सम्बन्ध रहे हैं | उन्होंने बताया हैं की विजयाराजे सिंधिया को भी कांग्रेस छोड़नी पड़ी |  इंदिरा की लहार में भी वो अपने पुत्र माधव राव को जिताया  |  अमर सिंह ने कहा की क्या कारण थे जो राज माता को कांग्रेस छोड़नी पड़ी उसका खुलासा करने में आज देरी नहीं करनी चाहिए |  आपको वो पूरा वीडियो  दिखते और सुनवाते हैं की क्या कहा हैं अमर सिंह ने  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 March 2020

 jitu patwari

विधायकों ने पहले ही की थी DGP से अपनी सुरक्षा की मांग   बैंगलुरु के रिसोर्ट में पहुंचे मध्यप्रदेश के मंत्री जीतू पटवारी ने जम कर हंगामा किया |  जिसके बाद पुलिस ने पटवारी और लाखन सिंह  को गिरफ्तार कर लिया | जीतू पटवारी और  लाखन सिंह  विधायक मनोज चौधरी के पिता को लेकर जबरिया रिसोर्ट में घुस गए थे  | इसके बाद कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उनके साथ बदतमीजी की  |  मध्यप्रदेश का सियासी ड्रामा बेंगलुरु में देखने को मिला जहाँ  | कमलनाथ सरकार के मंत्री जीतू पटवारी ,लाखन सिंह कांग्रेस विधायक मनोज चौधरी के पिता नारायण चौधरी और लोकल कांग्रेस नेताओं के साथ पहुंचे और रिसोर्ट के वॉश रूम ,लॉबी और कमरों में घुसकर अपने विधायकों को तलाशने लगे | रिसोर्ट प्रबंधन ने जब इस पर आपत्ति की तो पटवारी और उनके साथ पहुंचे लोगों ने इसे अनसुना कर दिया |  इसके बाद वहां पहुंची पुलिस ने भी इसे वहां ठहरे लोगों की प्रायवेसी में दखल बताया और जीतू पटवारी को ऐसा करने से रोक दिया जिसके बाद जीतू पटवारी ने चिल्लाना शुरू कर दिया | और रिसोर्ट में हंगामा शुरू हो गया  |  जिसके बाद पुलिस ने जीतू पटवारी और उनके साथ आये लोगों को पकड़ा और पुलिस स्टेशन ले गए  | पटवारी और कांग्रेस का आरोप है कि बेंगलोर  के इस  रिज़ॉर्ट में  कांग्रेस  विधायकों को भाजपा ने बंधक बना कर रखा है |  इसके पहले ही बेंगलुरु पहुंचे कांग्रेस विधायकों  को ऐसा होने की आशंका थी और उन्होंने  अपनी सुरक्षा की मांग की  थी | इन तमाम विधायकों ने डीजीपी को पत्र लिखकर कहा था  कि बेंगलुरू और आस पास के इलाकों में सुरक्षा को बढ़ाया जाए  |  साथ ही   स्थानीय पुलिस उन्हें सुरक्षा और एस्कॉर्ट उपलब्ध कराए  |  पत्र में लिखा है कि हम सभी मध्य प्रदेश के विधायक और सांसदों को सुरक्षा मुहैया कराई जाए  | हम यहां पर जरूरी काम से आए हैं, जिसकी वजह से हममे यहां पर सुरक्षा और एस्कॉर्ट स्थानीय पुलिस द्वारा मुहैया कराई जाए ताकि हम बेंगलुरू में सुरक्षित रह सकें |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 March 2020

 DR.SUMER SINGH

एमपी से राज्यसभा के लिए दूसरा नाम   भारतीय जनता पार्टी ने  राज्यसभा उम्मीदवारों की सूची जारी की |  जिसमे  हरियाणा, हिमाचल ,महाराष्ट्र  और मध्यप्रदेश  के नामों को जारी किया  | मध्यप्रदेश से पहला नाम ज्योतिरादित्य सिंधिया का था  वहीँ दूसरी सूचि में डॉ. सुमेर सिंह सोलंकी का नाम है |  राज्यसभा के लिए होने जा रहे चुनाव में भाजपा ने गुरुवार को अपनी दूसरी सूची जारी कर दी है |  इसमें पार्टी की ओर से हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के उम्मीदवारों की घोषणा की   है  | केंद्रीय चुनाव समिति द्वारा राज्यसभा के लिए उम्मीदवारों के नाम पर सहमति जताने के बाद इसे जारी किया गया है | बीजेपी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के बाद  मध्यप्रदेश से डॉ. सुमेर सिंह सोलंकी और महाराष्ट्र से भगवत कराड़ के नाम की घोषणा की   है  | पार्टी ने हरियाणा से दो उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की |  हरियाणा से पार्टी ने रामचंद्र झांगड़ा और दुष्यंत कुमार गौतम को पार्टी की ओर से उम्मीदवार बनाया है |  वहीं हिमाचल प्रदेश से इन्दु गोस्वामी को प्रत्याशी बनाया गया है  | भाजपा द्वारा महाराष्ट्र विधान परिषद उपचुनाव के लिए भी प्रत्याशी के नाम की घोषणा कर दी है |  पार्टी ने यहां से अमरीश भाई रसिकलाल पटेल को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 March 2020

 Scindia Shah Rajnath

सिंधिया ने की राजनाथ सिंह से मुलाक़ात   बीजेपी ज्वाइन करने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी की रीतिनीति को समझ रहे हैं  | इसी सिलसिले में दिल्ली में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गृह मंत्री अमित शाह  और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाक़ात की | यह दोनों जी बीजेपी नेता पूर्व में पार्टी अध्यक्ष रहा चुके हैं |  ज्योतिरादित्य सिंधिया ने  भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन करने के बाद उसकी कार्य शैली को समझना शुरू कर दिया है |  हालाँकि कांग्रेस में रहते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने धारा 370 ,ट्रिपल तलाक और caa जैसे मसलों का खुलकर समर्थन किया था  | इसी सिलसिले में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की |  बीजेपी में शामिल होने के बाद पहली बार सिंधिया  इन दोनों दिग्गज भाजपा नेताओं से मिले  | पार्टी में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया की ये भाजपा नेताओं से पहली औपचारिक मुलाकात थी |  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा कि आज ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की |  मुझे पूरी उम्मीद है कि उनके बीजेपी में आने से मध्य प्रदेश में जनता की सेवा करने में पार्टी और भी मजबूत होगी | बुधवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिल्ली में बीजेपी ज्वाइन की, इस दौरान बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद रहे थे | पार्टी ज्वाइन करने के कुछ ही देर बाद भारतीय जनता पार्टी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा भेजने का फैसला ले लिया | मध्य प्रदेश कांग्रेस की ओर से गुरुवार को ही ज्योतिरादित्य सिंधिया पर तंज कसा गया था |  ट्वीट कर पार्टी की ओर से कहा गया कि बीजेपी में महाराज का इतना अपमान किया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर उनका स्वागत भी नहीं किया है |  हालांकि, अब अमित शाह, राजनाथ सिंह ने ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात के बाद उनका औपचारिक स्वागत किया है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 March 2020

 CONGRESS

भाजपा विधायक पहुंचे हरियाणा  सिंधिया समर्थक बोले हम सिंधिया के    मध्यप्रदेश में विधायकों को शिफ्ट करना अब पार्टियों की मज़बूरी बनती जा रही हैं  | एक तरफ बीजेपी नई अपने विधायकों को बस ने भरकर एयरपोर्ट पहिंचाया हैं | तो वंही कांग्रेस ने अपने विधायक जयपुर पहुंचा दिए हैं  |  बीजेपी ने पहले विधायक दाल की बैठक की और फिर दो बसों में भरकर अपने विधायकों को एयरपोर्ट पहुँचाया |  और सरे विधायक विमान से  हरियाणा के मानेसर पहुंचा दिए गए  | जिस रिजॉर्ट में भारतीय जनता पार्टी के विधायक रुके हुए हैं |  वहां पर हरियाणा CID को तैनात किया गया है | भारतीय जनता पार्टी नेअपने 106 विधायकों को हरियाणा के मानेसर में पहुंचाया हैं |  मध्य प्रदेश कांग्रेस के नेता जयपुर  पहुंचा दिए गए |  कांग्रेस की ओर से जयपुर में एक रिजॉर्ट बुक किया गया था  |  जहां सभी विधायक रुकें हुए हैं | जयपुर में इन कांग्रेस विधायकों को ब्यूना विस्ता रिजॉर्ट में रखा हैं |  कांग्रेस की ओर से यहां रिजॉर्ट के 42 कमरों को बुक है | वहीँ मध्य प्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन ने दावा किया है कि उनकी सरकार पर कोई खतरा नहीं है, सभी विधायक मुख्यमंत्री के संपर्क में हैं. हम विधानसभा में बहुमत साबित करेंगे और 2023 तक सरकार बनाएंगे | इसी बीच निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिलने पहुंचे थे | मध्य प्रदेश कांग्रेस की ओर से एक ट्वीट किया गया है. इसमें सभी विधायकों के एक होने का दावा किया गया है. ट्वीट में लिखा है कि पूरी कांग्रेस एक है: मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के नेतृत्व में बनी कांग्रेस सरकार पूरी तरह से एकजुट और सुरक्षित है. बीजेपी की “फूट डालो, राज करो” की साज़िश कभी कामयाब नहीं होगी. हमारे सभी विधायक प्रदेश की जनता के प्रति जवाबदारी, अपना फ़र्ज़ और नैतिकता समझते हैं.|  कांग्रेस विधायक अर्जुन सिंह ने भी दावा किया है कि  | कमलनाथ सरकार को कुछ नहीं होने वाला है |  आप 16 मार्च तक देखिएगा विधायकों की संख्या बिल्कुल ठीक रहेगी | ज्योतिरादित्य सिंधिया के जाने से पार्टी को कोई फर्क नहीं पड़ेगा  | राजा-महाराजाओं के दिन गए |  लेकिन आप को यहाँ बता दी की जिन सिंधिया समर्थक विधायकों के कमलनाथ के टच में होने की बात कही जा रही हैं उन्होंने अपना मैसेज वीडियो जारी करके साफ़ कर दिया हैं की वे सिंधिया के ही हैं | कमलनाथ का साथ नहीं देंगे | . कमलनाथ का डर साफ़ नजर आ रहा हैं |  खतरे में कमलनाथ की सरकार ये हर कोई कह रहा हैं |  22 विधायकों के इस्तीफे के साथ ही कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं |  कमलनाथ की ओर से दावा किया जा रहा है कि वो अभी भी बहुमत हासिल कर लेंगे |  इस बीच बचे हुए जो विधायक हैं | कांग्रेस उन्हें अब जयपुर  पहुंचा दिया हैं | विधायकों के इस्तीफे के बाद विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा भी गिरकर 104 पहुंच गया है |  22 इस्तीफों के बाद कांग्रेस की संख्या 114 से 92 हो गई है. | हालांकि, मंगलवार शाम कमलनाथ की बैठक में कांग्रेस के 92 की बजाय 88 विधायक ही पहुंचे |   लेकिन अब तक सपा-बसपा और निर्दलीयों की मदद से कांग्रेस के पास 99 विधायकों का समर्थन हासिल है |  अब विधानसभा में कुल संख्या: 206 की हैं | बहुमत के लिए आंकड़ा: 104 चाहिए  | कांग्रेस (गठबंधन) के पास आंकड़ा: 99 का हैं  | बीजेपी के पास आंकड़ा: 107 हैं  |    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 March 2020

 CONGRESS

भाजपा विधायक पहुंचे हरियाणा  सिंधिया समर्थक बोले हम सिंधिया के    मध्यप्रदेश में विधायकों को शिफ्ट करना अब पार्टियों की मज़बूरी बनती जा रही हैं  | एक तरफ बीजेपी नई अपने विधायकों को बस ने भरकर एयरपोर्ट पहिंचाया हैं | तो वंही कांग्रेस ने अपने विधायक जयपुर पहुंचा दिए हैं  |  बीजेपी ने पहले विधायक दाल की बैठक की और फिर दो बसों में भरकर अपने विधायकों को एयरपोर्ट पहुँचाया |  और सरे विधायक विमान से  हरियाणा के मानेसर पहुंचा दिए गए  | जिस रिजॉर्ट में भारतीय जनता पार्टी के विधायक रुके हुए हैं |  वहां पर हरियाणा CID को तैनात किया गया है | भारतीय जनता पार्टी नेअपने 106 विधायकों को हरियाणा के मानेसर में पहुंचाया हैं |  मध्य प्रदेश कांग्रेस के नेता जयपुर  पहुंचा दिए गए |  कांग्रेस की ओर से जयपुर में एक रिजॉर्ट बुक किया गया था  |  जहां सभी विधायक रुकें हुए हैं | जयपुर में इन कांग्रेस विधायकों को ब्यूना विस्ता रिजॉर्ट में रखा हैं |  कांग्रेस की ओर से यहां रिजॉर्ट के 42 कमरों को बुक है | वहीँ मध्य प्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन ने दावा किया है कि उनकी सरकार पर कोई खतरा नहीं है, सभी विधायक मुख्यमंत्री के संपर्क में हैं. हम विधानसभा में बहुमत साबित करेंगे और 2023 तक सरकार बनाएंगे | इसी बीच निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिलने पहुंचे थे | मध्य प्रदेश कांग्रेस की ओर से एक ट्वीट किया गया है. इसमें सभी विधायकों के एक होने का दावा किया गया है. ट्वीट में लिखा है कि पूरी कांग्रेस एक है: मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के नेतृत्व में बनी कांग्रेस सरकार पूरी तरह से एकजुट और सुरक्षित है. बीजेपी की “फूट डालो, राज करो” की साज़िश कभी कामयाब नहीं होगी. हमारे सभी विधायक प्रदेश की जनता के प्रति जवाबदारी, अपना फ़र्ज़ और नैतिकता समझते हैं.|  कांग्रेस विधायक अर्जुन सिंह ने भी दावा किया है कि  | कमलनाथ सरकार को कुछ नहीं होने वाला है |  आप 16 मार्च तक देखिएगा विधायकों की संख्या बिल्कुल ठीक रहेगी | ज्योतिरादित्य सिंधिया के जाने से पार्टी को कोई फर्क नहीं पड़ेगा  | राजा-महाराजाओं के दिन गए |  लेकिन आप को यहाँ बता दी की जिन सिंधिया समर्थक विधायकों के कमलनाथ के टच में होने की बात कही जा रही हैं उन्होंने अपना मैसेज वीडियो जारी करके साफ़ कर दिया हैं की वे सिंधिया के ही हैं | कमलनाथ का साथ नहीं देंगे | . कमलनाथ का डर साफ़ नजर आ रहा हैं |  खतरे में कमलनाथ की सरकार ये हर कोई कह रहा हैं |  22 विधायकों के इस्तीफे के साथ ही कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं |  कमलनाथ की ओर से दावा किया जा रहा है कि वो अभी भी बहुमत हासिल कर लेंगे |  इस बीच बचे हुए जो विधायक हैं | कांग्रेस उन्हें अब जयपुर  पहुंचा दिया हैं | विधायकों के इस्तीफे के बाद विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा भी गिरकर 104 पहुंच गया है |  22 इस्तीफों के बाद कांग्रेस की संख्या 114 से 92 हो गई है. | हालांकि, मंगलवार शाम कमलनाथ की बैठक में कांग्रेस के 92 की बजाय 88 विधायक ही पहुंचे |   लेकिन अब तक सपा-बसपा और निर्दलीयों की मदद से कांग्रेस के पास 99 विधायकों का समर्थन हासिल है |  अब विधानसभा में कुल संख्या: 206 की हैं | बहुमत के लिए आंकड़ा: 104 चाहिए  | कांग्रेस (गठबंधन) के पास आंकड़ा: 99 का हैं  | बीजेपी के पास आंकड़ा: 107 हैं  |    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 March 2020

  Jyotiraditya Scindia

कहा कांग्रेस छोड़ते वक्त दुखी भी हूं,व्यथित भी   मध्यप्रदेश की सियासी उठापठक का एक अध्याय आज पूरा हुआ | होली के दिन कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ले ली |  जेपी नड्डा की मौजूदगी में सिंधिया ने पार्टी की सदस्यता ली हैं |  सिंधिया ने कहा की कांग्रेस छोड़ते वक्त दुखी भी हूं और व्यथित भी हूँ |   सिंधिया के बीजेपी में शामिल होते ही | धुंधली तस्वीरें अब साफ़ होने लगी हैं  | और चीज बिलकुल साफ़ हो गई हैं की कमलनाथ सरकार, बहुमत के आंकड़े से काफी पीछे हैं | ज्योतिरादित्य सिंधिया अब मध्य प्रदेश की राजनीति के ‘महाराज’ बन कर उबरे हैं  | उन्होंने कांग्रेस को सबक सिखाते हुए   भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया है |  बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा की मौजूदगी में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी मुख्यालय में सदस्यता ली हैं | कांग्रेस में कभी राहुल गांधी के करीबी रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने होली के दिन कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था  उनके बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस के 22 विधायकों ने भी पार्टी छोड़ दी थी |  अब कहा जा रहा हैं की भारतीय जनता पार्टी ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा भेज सकती है |  3 बजकर 5 मिनिट पर  बीजेपी में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह जी का शुक्रिया की उन्होंने अपने परिवार में स्थान दिया |  सिंधिया बोले कि मेरे जीवन में दो तारीख काफी अहम रही हैं | इनमें पहला 30 सितंबर 2001 जिस दिन मैंने अपने पिता को खोया  | वो जिंदगी बदलने वाला दिन है. | और दूसरी तारीख 10 मार्च 2020 को जहां जीवन में एक बड़ा निर्णय मैंने लिया है |  सिंधिया बोले कि आज मन व्यथित है और दुखी भी है. | जो कांग्रेस पार्टी पहले थी वो आज नहीं रही |  उसके तीन मुख्य बिंदु हैं |  पहला कि वास्तविकता से इनकार करना |   नई विचारधारा और नेतृत्व को मान्यता नहीं मिलना |  2018 में जब MP में सरकार बनी तो एक सपना था |   लेकिन वो बिखर चुका है |  मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार ने वादे पूरे नहीं किए हैं. कांग्रेस में रहकर जनसेवा नहीं की जा सकती. | ज्योतिरादित्य सिंधिया ने यह भी कहा कि आज मध्य प्रदेश में ट्रांसफर माफिया का उद्योग चल रहा है, राष्ट्रीय स्तर पर प्रधानमंत्री और गृह मंत्री ने मुझे एक नया मंच देने का मौका दिया है |  पार्टी प्रमुख जेपी नड्डा ने इस दौरान कहा कि राजमाता सिंधिया जी ने भारतीय जनसंघ और भारतीय जनता पार्टी स्थापना की  और विस्तार करने में बड़ी भूमिका निभाई थी. | आज उनके पौत्र हमारी पार्टी में आए हैं | जेपी नड्डा ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया परिवार के सदस्य हैं  |  ऐसे में हम उनका स्वागत करते हैं |  अब आगे की भारतीय जनता पार्टी की रणनीति किया होगी | कहा जा रहा हैं की मध्य प्रदेश से ज्योतिरादित्य सिंधिया और हर्ष चौहान को  राज्यसभा के लिए भेजा जा सकता है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 March 2020

 BRAJ HOLI

बांके बिहारी मंदिर में दिखा ऐसा नजारा   आठ  दिनों तक चलने वाले रंगों के त्योहार होली की धूम मची हुई है  |  मथुरा और वृंदावन और बरसाना की होली तो देश और दुनिया में प्रसिद्ध है  | यहां होली उत्सव की शुरुआत बसंत पंचमी से ही हो जाती है जो होली तक लगातार 8 दिनों तक जारी रहती है |   होली के इस उत्सव के दौरान मथुरा, वृंदावन में बरसाने की लट्ठमार होली के साथ ही लड्डू मार होली की परंपरा भी काफी प्रसिद्ध है  | ब्रज में वसंत पंचमी पर होली का डंडा गाड़े जाने के साथ ही सभी मंदिरों और गांव में होली महोत्सव शुरू हो जाता है जो 40 दिनों तक चलता है |  खास तौर पर यह लड्डू फेक होली से शुरू होता है |  यह त्योहार गोकुल, मथुरा और वृंदावन में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है | यहां पर रंगों से होली खेलने से पहले लड्डू, फूल, लट्ठ वाली होली मनाई जाती है |  मान्यता है कि लड्डू होली की शुरुआत द्वापर युग से हुई  | इसके पीछे  पौराणिक कथा भी है | लट्ठमार होली हो या फिर फूलों की होली, इसमें शामिल होने के लिए हजारों लोग हर साल पहुंचते हैं | इस बार भी बड़ी संख्या में भक्त बांके बिहारी के साथ होली खेलने के लिए मथुरा वृंदावन पहुंचे हैं | वृंदावन स्थित बांके बिहारी मंदिर में तो भक्तों पर होली का ऐसा रंग चढ़ा कि सबकुछ रंगों से सराबोर हो गया  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 March 2020

  CM Uddhav Thackeray

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ठाकरे रामलला के दरबार में  पहुंचे   रामलला के दर्शन के लिए अयोध्या पहुंचे  | महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि वे राममंदिर निर्माण के लिए एक करोड़ की राशि देंगे |  मुख्यमंत्री के रूप में 100 दिन पूरे होने पर उद्धव ठाकरे अयोध्या में दर्शन करने पहुंचे थे |  ऐसा करके वह अपनी हिंदुत्व वाली छवि को भी कायम रखना चाहते हैं |  महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे आज अयोध्या पहुंचे  और उन्होंने राम मंदिर निर्माण के लिए 1 करोड़ रुपये की धनराशि देने का ऐलान किया  |  मुख्यमंत्री के रूप में 100 दिन पूरे होने पर उद्धव ठाकरे ने अपने  बेटे और मंत्री आदित्य ठाकरे  के साथ रामलला के दरबार में हाजिरी दी | उद्धव ठाकरे ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर मेरे लिए सौभाग्य की बात है |  मैं बार बार अयोध्या आऊंगा |  जगह मिलने पर अयोध्या में महाराष्ट्र भवन का निर्णाण करेंगे. |  उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं पहली बार नवंबर 2018 में अयोध्या आया था और अगली बार नवंबर में ही मुख्यमंत्री बन गया |  तीसरी बार मैं यहां आया हूं. |  उद्धव ने कहा कि ट्रस्ट का निर्माण हो गया है |  बैंक खाता भी खुल चुका है. |  मुझे याद है कि बालासाहेब के समय महाराष्ट्र से शिलाएं भेजी गई हैं. |  मैं यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से विनती करता हूं कि महाराष्ट्र से जो राम भक्त आएंगे उनके रहने के लिए जमीन दें |  हम महाराष्ट्र भवन बनाएंगे. | जब भी मैं यहां आया, कुछ सफलता लेकर गया हूं. मैं फिर आऊंगा |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 March 2020

 PM NARENDRA MODI

मोदी के कारण पांच हजार की दवा पंद्रह सौ में   जन औषधि दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान एक महिला की बात सुनकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काफी भावुक हो गए |  दीपा शाह नाम की महिला ने कहा कि वो लकवा मरीज है, पहले दवा खरीदने में उसके 5000 रुपये खर्च हो जाते थे. |  लेकिन जबसे उसने जन औषधि से दवाएं लेनी शुरू की, उसका दवाओं का खर्चा 1500 हो गया. | वह बाकी बचे पैसों से घर चलाती है और फल खरीदती है | इसके बाद महिला ने जो कुछ कहा उससे मोदी बेहद भावुक हो गए  |  जन औषधि दिवस पर एक महिला से बात करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भावुक हो गए. |  पीएम से बात करते हुए एक महिला ने कहा कि उसने भगवान तो नहीं देखा है, लेकिन नरेंद्र मोदी को देखा है. |  यह कहते हुए महिला पीएम नरेंद्र मोदी से बात करते हुए रोने लगी. |  महिला से बात करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी भावुक हो गए | जन औषधि दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान महिला दीपा शाह ने कहा कि वो लकवा मरीज है, पहले दवा खरीदने में उसके 5000 रुपये खर्च हो जाते थे. लेकिन जबसे उसने जन औषधि से दवाएं लेनी शुरू की, उसका दवाओं का खर्चा 1500 हो गया. |  पीएम नरेंद्र मोदी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात करते हुए दीपा शाह ने अपनी कहानी सुनाई. |  दीपा शाह प्रधानमंत्री से बात करते हुए रोने लगी.  उन्होंने कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बहुत-बहुत धन्यवाद देना चाहती हैं, क्योंकि उन्ही की आशीर्वाद की वजह से उन्हें नई जिंदगी मिली है|जन औषधि दिवस के लाभार्थियों को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि जनऔषधि दिवस सिर्फ एक योजना को सेलिब्रेट करने का दिन नहीं है, बल्कि उन करोड़ों भारतीयों, लाखों परिवारों के साथ जुड़ने का दिन है, जिनको इस योजना से बहुत राहत मिली है.|  पीएम ने कहा कि ये देश के हर व्यक्ति तक सस्ता और उत्तम इलाज पहुंचाने का संकल्प है. | उन्होंने संतोष जताया कि अब तक 6 हजार से अधिक जनऔषधि केंद्र पूरे देश में खुल चुके हैं |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 March 2020

 Yes Bank crisis

यस बैंक से निकासी पर RBI ब्रेक 50 हजार ही निकलेंगे   आरबीआई ने निजी क्षेत्र की कंपनी यस बैंक पर  50 हजार की निकासी की लिमिट लगाई  तो उसके ग्राहकों में हड़कंप मच गया | इस बीच, यस बैंक संकट पर केंद्री वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने खाताधारकों को भरोसा दिया है कि उनका पैसा डूबने नहीं दिया जाएगा.बैंक के खाताधारकों का पैसा सुरक्षित है |  निर्मला सीतारमण के मुताबिक यस बैंक ने अनिल अंबानी, एसेल ग्रुप, डीएचएफएल, वोडाफोन जैसी कंपनियों को लोन दिया जो डिफॉल्ट हुए हैं |   ये सभी मामले 2014 से पहले यानी यूपीए शासनकाल के हैं |  रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की यस बैंक पर पाबंदी की कार्रवाई के बाद ग्राहकों में बेचैनी बढ़ गई है |  हालांकि, सरकार की ओर से बार-बार खाताधारकों को पैसे सुरक्षित रहने का भरोसा दिलाया जा रहा है |  इस बीच, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया है कि यस बैंक द्वारा नियमों का पालन नहीं किया जा रहा था. बैंक ने जोखिम भरे क्रेडिट निर्णय लिए थे |  निर्मला सीतारमण के मुताबिक यस बैंक ने अनिल अंबानी, एसेल ग्रुप, डीएचएफएल, वोडाफोन जैसी कंपनियों को लोन दिया जो डिफॉल्ट हुए हैं. ये सभी मामले 2014 से पहले यानी यूपीए शासनकाल के हैं |  निर्मला सीतारमण ने कहा, मैंने RBI से आकलन करने के लिए कहा है कि बैंक में इन कठिनाइयों का क्या कारण है |  इसके साथ-साथ समस्या के लिए व्यक्तिगत रूप से कौन ज़िम्मेदार हैं, उनकी पहचान की जाए.... निर्मला सीतारमण ने बताया कि यस बैंक के मामले को लेकर वह मई 2019 के बाद से ही आरबीआई के संपर्क में थीं. वहीं सितंबर 2019 से यस बैंक पर सेबी की नजर है. बता दें कि सेबी शेयर बाजार को रेग्युलेट करता है | निर्मला सीतारमण के मुताबिक एसबीआई ने हिस्सेदारी खरीदने में दिलचस्पी दिखाई है...  उन्होंने बताया कि नया बोर्ड री-स्ट्रक्चरिंग प्लान के बाद टेकओवर करेगा |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 March 2020

 TAHIR ARRESTED

IB कॉन्स्टेबल अंकित शर्मा की हत्या का है आरोपी   दिल्ली में हिंसा को बढ़ाने वाला और कॉन्स्टेबल अंकित शर्मा की हत्या के आरोपी आप नेता  ताहिर हुसैन को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है |  ताहिर के घर से उसके समर्थकों ने पत्थरबाजी की | पेट्रोल बम भी फैंके थे | और ख़ास वर्ग के लोगों को निशाना बनाया था |  दिल्ली हिंसा को भड़काने में अहम भूमिका निभाने वाला आरोपी ताहिर हुसैन ने दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में सरेंडर कर दिया है  | ताहिर ने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि वह नार्को टेस्ट के लिए भी तैयार है  | उसने खुद को बेकसूर बताया   | ताहिर पर IB कॉन्स्टेबल अंकित शर्मा की हत्या का भी आरोप है  |  पुलिस ने ताहिर  के खिलाफ  दंगा भड़काने के मामले में भी केस दर्ज किया है  | ताहिर के सरेंडर के बाद राउज एवेन्यू कोर्ट में भारी पुलिस बल की तैनाती कर दी गई  | कोर्ट के समक्ष ताहिर ने जमानत की मांग थी |   इस पर कोर्ट ने कहा कि सरेंडर पर सुनवाई का उनके पास अधिकार नहीं है |  फिर क्राइम ब्रांच ने ताहिर हुसैन को गिरफ्तार कर लिया  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 March 2020

 AMAR SINGH

अमर सिंह ने कहा सिंगापुर में   टाइगर अभी ज़िंदा है कुछ 'शुभचिंतक' उनके मरने की दुआएं मांग रहे हैं   समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता अमर सिंह ने अपने निधन की खबर का खंडन करते हुए सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी किया  | उन्होंने कहा टाइगर अभी जिन्दा है   |  अमर सिंह की मौत की खबर सोशल मीडिया पर थी  |  उसके कुछ समय बाद सोशल मीडिया पर अमर सिंह का वीडियो आया  | अमर  सिंह ने लिखा कि वे सिंगापुर में हैं, जहां एक सर्जरी होना है |  इसके बाद वे भारत लौट आएंगे  |  अमर सिंह के निधन की अफवाह पहली बार 2 मार्च को उड़ी  | उन्होंने यह भी कहा कि कुछ 'शुभचिंतक' उनके मरने की दुआएं मांग रहे हैं, लेकिन वे जिंदा हैं  |  अमर सिंह के वीडियो के बाद सोशल मीडिया पर जबरदस्त कमेंट्स आ रहे हैं  .| लोग उनके जल्दी सेहतमंद होने की कामना कर रहे हैं  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 March 2020

 SHAHEEN BAGH 144

भारी सुरक्षा के बीच ड्रोन से निगरानी   नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ जारी विरोध प्रदर्शन के बीच दिल्ली के शाहीन बाग में धारा 144 लागू कर दी गई है. | शाहीन बाग में दिल्ली पुलिस ने नोटिस जारी कर कहा है कि इस क्षेत्र में जमा न हों और न ही प्रदर्शन करें |  पूरे इलाके में ड्रोन से नजर रखी जा रही है, साथ ही बड़ी संख्या में पुलिसबलों की तैनाती की गई है |  अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर सीआरपीएफ के जवान भी तैनात किये गए हैं |  दिल्ली पुलिस ने रविवार सुबह शाहीन बाग धरना स्थल के नजदीक बैरिकैड्स पर यह नोटिस चिपकाया  है कि इस इलाके में धारा 144 लागू की गई है | पुलिस की तरफ से कहा गया है कि इस आदेश को न मानने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी |  शाहीन बाग में ढाई महीने से लगातार धरने पर महिलाएं बैठी हैं और नागरिकता कानून को हटाने की मांग कर रही हैं. |  इलाके में धारा 144 लागू करना का फैसला ऐसे वक्त में आया है जब दिल्ली के नॉर्थ ईस्ट इलाके में हिंसा हुई है और दूसरी तरफ हिंदू सेना ने 1 मार्च यानी आज ही के दिन शाहीन बाग कूच का ऐलान किया था |  हालांकि, बाद में हिंदू सेना ने अपना फैसला बदल लिया. लेकिन पुलिस ने एहतियातन धारा 144 लागू कर दी. | संयुक्त कमिश्नर डीसी श्रीवास्तव भी शाहीनबाग में मौजूद हैं |  उन्होंने बताया कि सुरक्षा के मद्देनजर यहां भारी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है |  हमारा मकसद कानून व्यवस्था बनाए रखना और किसी भी तरह की अप्रत्याशित घटना को रोकना है|   ऐसी आशंका जताई जा रही थी दक्षिण-पूर्वी दिल्ली इलाके में भी लोग हंगामा खड़ा कर सकते हैं | ऐसे में पहले ही पुलिस अलर्ट मोड पर आ गई है. | इससे पहले भी कई बार रविवार को रास्ता खुलवाने को लेकर लोग जमा होते रहे हैं |  ऐसे में शाहीन बाग के लिए रविवार के दिन पुलिस खासतौर पर सतर्कता बरतती रही है. | पुलिस लोगों की आवाजाही पर भी नजर रख रही है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 March 2020

  DELHI VIOLENCE

सभी स्कूलों को सात मार्च तक के लिए किया बंद   दिल्ली में हुए दंगों में कम से कम 41  लोग मारे गए और 200 से अधिक घायल हो गए, लेकिन अब स्थिति अब धीरे-धीरे सामान्य हो रही है | दिल्ली पुलिस ने अब तक 238 से अधिक मामले दर्ज किए हैं, जिनमें से 36 मामले शस्त्र अधिनियम के तहत दर्ज किए गए हैं |  वहीं, दंगे के मामले में शनिवार तक 885 लोगों को हिरासत में लिया गया है या गिरफ्तार किया गया है |  पुलिस ने बताया कि स्थिति सामान्य होने के बाद अब सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं और सिलसिलेवार तरीके से दंगाइयों की पहचान की जा रही थी | कुछ मामलों की जांच स्थानीय पुलिस करेगी, जबकि कई मामलों की जांच क्राइम ब्रांच की टीम करेगी | इस हिंसा में 41 लोगों की मौत हो चुकी है |  इसी बीच दिल्ली के गोकुलपुरी इलाके में रविवार सुबह नाले से शव बरामद हुआ है. | पुलिस यह जानने की कोशिश कर रही है कि इस शख्स की दिल्ली हिंसा के दौरान ही मौत हुई थी, या इसकी मौत किसी दूसरी वजह से हुई है. |  लाश बरामद होने के बाद से ही इलाके में सनसनी फैली गई है |  दिल्ली में हिंसा पर अब काबू पाया जा चुका है. पिछले 3 दिनों से हिंसा की कोई खबर नहीं है. उधर, दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय द्वारा जारी अधिसूचना के आधार पर निजी संस्थानों सहित जिले के सभी स्कूलों को सात मार्च तक बंद कर दिया गया है |  हालांकि, सीबीएसई ने कहा है कि कक्षा 10 और 12 की परीक्षाएं दो मार्च से तय कार्यक्रम के अनुसार शुरू होंगी |  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को नॉर्थ ईस्ट जिला मजिस्ट्रेट के कार्यालय का दौरा किया और राहत कार्यों का जायजा लिया |   उन्होंने यह भी कहा कि शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी के किसी भी हिस्से से हिंसा की कोई घटना नहीं हुई  |  सरकार की पहली प्राथमिकता सामान्य स्थिति बहाल करना है |  एक बयान में दिल्ली पुलिस ने पुष्टि की थी कि 26 मृतकों की पहचान कर ली गई है, जबकि अन्य की पहचान करने की कोशिश की जा रही है  |  घातक चोटों की वजह से 22 पीड़ितों की मौत हो गई, जबकि गोली लगने की वजह से 13 लोगों की मौत हुई है |  दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि हिंसा में घायल 200 से अधिक लोगों का दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है |  वहीं, 45 से अधिक घायलों का इलाज जीटीबी अस्पताल में चल रहा है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 March 2020

 PM NARENDRA MODI

मोदी एक्सप्रेस-वे  रोजगार के कई अवसर लाएगा   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चित्रकूट में बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे की आधारशिला रखी | उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे, विकास का एक्सप्रेसवे साबित होगा और रोजगार के हजारों अवसर पैदा होंगे. |  प्रधानमंत्री ने कहा कि आपने दशकों में वो दिन भी देखे हैं जब बुंदेलखंड के नाम पर, किसानों के नाम पर हज़ारों करोड़ के पैकेज घोषित होते थे, लेकिन किसान की जेब तक कुछ नहीं पहुंचता था. | अब उन दिनों को हम पीछे छोड़ चुके हैं |   दिल्ली से निकलने वाली पाई-पाई उसके हकदार तक पहुंच रही है. |  बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे की आधारशिला  रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा   कहा कि पीएम किसान सम्मान निधि द्वारा एक वर्ष में देश के करीब 8.5 करोड़ किसान परिवारों के बैंक खातें में सीधे 50,000 करोड़ से अधिक की राशि जमा हो चुकी है |   चित्रकूट सहित पूरे यूपी के 2 करोड़ से ज्यादा किसान परिवारों के खाते में भी करीब 12 हज़ार करोड़ रुपये जमा हुए हैं| आप कल्पना कर सकते हैं, 12 हज़ार करोड़ रुपये, सिर्फ एक वर्ष में. वो भी सीधे बैंक खाते में, बिना बिचौलिए के, बिना किसी भेदभाव के. ,पीएम मोदी ने कहा कि किसान अब तक उत्पादक तो था ही, अब वो FPO के माध्यम से व्यापार भी करेगा. |  अब किसान फसल भी बोएगा और कुशल व्यापारी की तरह मोल-भाव करके अपनी उपज का सही दाम भी प्राप्त करेगा. |  प्रधानमंत्री ने कहा कि बुंदेलखंड को विकास के एक्सप्रेस-वे पर ले जाने वाला बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे इस क्षेत्र के जन जीवन को बदलने वाला सिद्ध होगा |  करीब 15 हजार करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला ये एक्सप्रेस-वे यहां रोजगार के कई अवसर लाएगा |  इस धरती ने भारतीयों में मर्यादा के नए संस्कार गढ़े हैं. प्रभु श्रीराम आदिवासियों से, वन्य प्रदेश में रहने वालों से कैसे प्रभावित हुए थे, इसकी कथाएं अनंत हैं |  भारत रत्न नाना जी देशमुख ने यहीं से भारत को स्वावलंबन के रास्ते पर ले जाने का व्यापक प्रयास शुरू किया था |  दो दिन पहले ही नाना जी को उनकी पुण्यतिथि पर देश ने याद किया है. गोस्वामी तुलसीदास ने कहा है कि चित्रकूट के घाट पर हुई संतन की भीड़. आज आपको देखकर आपके इस सेवक को कुछ-कुछ ऐसी ही अनुभूति हो रही है. |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 March 2020


   SC Shaheen Bagh

अब शाहीन बाग पर सुनवाई 23 मार्च को   एक तरफ CAA पर बवाल मचा है ऐसे में  शाहीनबाग़ कालिंदी कुंज सड़क पिछले 70 दिनों से बंद है |  इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में  सुनवाई हुई |  सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि  अभी माहौल इस केस की सुनवाई के लिए ठीक नहीं है | सुप्रीम कोर्ट ने कहा  सार्वजनिक सड़क प्रोटेस्ट के लिए नहीं है और  पुलिस में प्रोफेशनलिज्म की कमी है  | इस मामले में सुप्रीम कोर्ट 23 मार्च को सुनवाई करेगा  |  शाहीन बाग केस की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थों से कहा कि हमने उनकी दी रिपोर्ट देखी है |  सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि आप पुलिस को डिमोरलाइज नही कर सकते हैं, इस समय हमारे पुलिस बल के कॉन्स्टेबल की मौत हुई है |  सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अभी हम इस मामले में विचार नहीं करना चाहते हैं. | अदालत ने कहा कि इस मामले की सुनवाई के लिए वातावरण ठीक नहीं है | SG तुषार मेहता ने इसका विरोध किया |   सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि 13 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है ये बेहद गंभीर विषय है.|  सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान टिप्पणी की कि "सार्वजनिक जगह" प्रदर्शन की  जगह नही होती है | सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि पुलिस अपना काम करे |  कभी कभी परिस्थिति ऐसी आ जाती है कि आउट ऑफ द बॉक्स जा कर काम करना पड़ता है. |  जस्टिस केएम जोसेफ ने कहा, "जिस पल एक भड़काऊ टिप्पणी की गई, पुलिस को कार्रवाई करनी चाहिए थी, दिल्ली ही नहीं, इस मामले के लिए कोई भी राज्य हो |  पुलिस को कानून के अनुसार काम करना चाहिए. |  ये दिक्कत पुलिस की प्रोफेशनलजिम में कमी की है |  सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमने प्रशासन को एक्शन लेने से नहीं रोका है |  अदालत ने कहा कि अब इस मामले की सुनवाई होली के बाद होगी, तब तक स्थितियां सामान्य होंगी |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 ACCIDENT

कोटा से सवाई माधोपुर जा रही थी बारात   राजस्थान में मंगलवार को एक भीषण सड़क हादसा हुआ है जिसमें एक बारातियों से भरी बस नदी में जा गिरी  | इस हादसे  में 30 लोगों के मारे जाने की खबर है वहीं कई अन्य लोग घायल हो गए हैं |  सभी घायलों को पास के अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है और इनमें से ज्यादातर की हालत गंभीर बताई जा रही है  | बारातियों से भरी यह बस कोटा से सवाई माधोपुर जा रही थी तभी रास्ते में एक पुल से गुजरते हुए बस असंतुलित होकर नदी में जा गिरी  |  हादसा राजस्थान के बूंंदी में  स्थित कोटा लालसोत मेगा हाईवे पर स्थित लाखेरी में हुआ  | तेज रफ्तार बस अचानक असंतुलीत होकर नदी में  गिर गई  |  हादसे के बाद स्थानीय लोगों ने राहत और बचाव कार्य शुरू कर पुलिस को सूचना दी  | यह हादसा बूंदी में मेज नदी पर बनी पुलिया पर हुआ  |  पुलिया पर सुरक्षा दीवार नहीं है |  बताया जा रहा है कि बस में कोटा के एक परिवार के कुछ लोग शादी समारोह में भात लेकर जा रहे थे  |  बस में क्षमता से अधिक सवारियां थी  | मौके पर पहुंची पुलिस ने राहत और बचाव कार्य में तेजी लाते हुए शवों को बस से निकालने का काम शुरू किया |  हादसे की सूचना मिलते ही भारी भीड़ घटनास्थल पर पहुंच गई  | नदी में पानी होने की वजह से राहत और बचाव कार्य में भारी परेशानी का सामना करना पड़ा  | इस हादसे के बाद अशोक गहलोत सरकार ने तत्काल मदद देने का निर्देश दिया है. | इसके साथ ही मृतकों को 2-2 लाख रुपये का मुआवजा देने का आदेश भी दिया गया है | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

  India America Deal

अमेरिका से रोमियो और अपाचे हेलिकॉप्टर लेगा भारत   अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे के दूसरे दिन दोनों देशों के बीच करीब 3 अरब डॉलर की डिफेंस डील पर मुहर लगी है |   इन सौदे में अमेरिका से  चौबीस  |  एमएच-60 रोमियो हेलिकॉप्टर और  छह   एच 64ई अपाचे हेलिकॉप्टर भारत लेगा. |  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडल के बीच हैदराबाद हाउस में हुई बातचीत में इस डिफेंस डील पर सहमति बनी है |  राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि 3 अरब डॉलर से ज्यादा के डिफेंस डील से दोनों देशों के रक्षा संबंध और मजबूत होंगे |  साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, 'हमने भारत-अमेरिका पार्टनरशिप के महत्वपूर्ण पहलुओं पर चर्चा की, वह चाहे रक्षा हो या सुरक्षा. |  हमने एनर्जी स्ट्रैटिजिक पार्टनरशिप, ट्रेड और पीपल-टु-पीपल के बीच संबंधों पर भी चर्चा की |  रक्षा क्षेत्र में भारत-अमेरिका के बीच मजबूत होता रिश्ता हमारी साझेदारी का महत्वपूर्ण पक्ष है. |  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा  कि ये दो दिन बहुत शानदार रहे  |  पीएम मोदी के साथ बहुत अच्छी बैठक हुई  | भारत एक महान देश है  | भारत में हमने सभी को पसंद किया |   पीएम मोदी और मेरे बीच बहुत अच्छे संबंध रहे  |  हमने कई मुद्दों पर बात की। यह हमारे लिए, मेरे परिवार के लिए बहुत अच्छा समय रहा  | भारत और अमेरिका के संबंध नई ऊंचाइयों पर पहुंचे हैं  | इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित भोज में हिस्सा  लिया और  अमेरिका रवाना हो गए  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

Delhi violence

धारा 144 अर्धसैनिक बलों की 37 कंपनियां तैनात   हिंसा की आग में झुलसी उत्तर पूर्वी दिल्ली में एक हेड कांस्टेबल सहित सात लोगों की मौत के बाद पूरे इलाके में धारा 144 लागू  कर दी गई है |  नागरिकता कानून संशोधन को लेकर शुरु हुआ बवाल उत्तर पूर्वी दिल्ली में अब खतरनाक मंजर अख्तियार करता जा रहा है |  उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सोमवार  से शुरू हुई हिंसा  मंगलवार को  मौजपुर और ब्रह्मपुरी इलाके में जारी रही | दिल्ली हिंसा में   100 से ज्यादा लोग घायल हुए  हैं  उत्तर पूर्वी दिल्ली में मंगलवार   भी हालात तनावपूर्ण रहे  |   सुबह-सुबह पांच मोटरसाइकिल को आग के हवाले कर दिया गया |  मौके पर बड़ी तादाद में पुलिस बल तैनात है| देर रात से सुबह तक मौजपुर और उसके आस-पास इलाकों में आगजनी  की  45 घटनाएं हुईं  | जिसमें दमकल की एक गाड़ी पर पथराव किया गया, जबकि एक दमकल की गाड़ी को आग के हवाले कर दिया गया | जिसमे तीन दमकलकर्मी घायल हुए है | इस बीच हिंसाग्रस्त इलाकों में अधिक पुलिस फोर्स की तैनाती का फैसला किया गया है |  ब्रह्मपुरी, घोंडा, मौजपुर, चांदपुर, करावल नगर में अर्धसैनिक बलों की 37 कंपनियां तैनात  की गई  उत्तर पूर्वी दिल्ली के 12 इलाकों में पुलिस के साथ अर्धसैनिक बलों की तैनाती की जाएगी और उपद्रवियों से निपटा जाएगा |  दिल्ली हिंसा पर गृह मंत्रालय की बैठक  हुई |  इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपराज्यपाल अनिल बैजल, पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक समेत कई अफसर मौजूद  रहे  | दिल्ली के हालात को देखते हुए 13 अर्धसैनिक बलों की कंपनियों को दिल्ली पुलिस की मदद के लिए तैनात किया गया है |   इनमें  दो कंपनियां रैपिड एक्शन फोर्स, एक सीआरपीएफ महिला कंपनी शामिल है |  दिल्ली के हिंसा वाले इलाकों में अर्द्ध सैनिक बलों की इन कंपनियों की तैनाती है | एहिताहतन जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एन्क्लेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया गया है. |  पूरे इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है. |  इसके साथ ही नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के सभी स्कूल आज बंद रहे | दिल्ली से सटे दूसरे राज्यों को हाई अलर्ट कर दिया गया है |     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 Trump-Mod

आतंक पर पकिस्तान को नसीहत नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम को संबोधित किया   नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा  हमारे देश इस्लामिक आतंकवाद का शिकार रहे हैं | जिसके खिलाफ हमने लड़ाई लड़ी है. अमेरिका ने अपने एक्शन में ISIS को खत्म किया और अल बगदादी का खात्मा किया.|   डोनाल्ड ट्रंप बोले कि हम आतंक के खिलाफ कड़े एक्शन ले रहे हैं, पाकिस्तान पर भी अमेरिका ने दबाव बनाया है |  पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ एक्शन लेना होगा, हर देश को अपने को सुरक्षित करने का अधिकार है. | अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आज भारत दौरे पर पहुंचे  |  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में नमस्ते ट्रंप को संबोधित किया. | अहमदाबाद आने के बाद डोनाल्ड ट्रंप लंबे रोड शो के बाद मोटेरा स्टेडियम पहुंचे, जहां पर अमेरिकी राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत की तारीफ में कसीदे पढ़े |  डोनाल्ड ट्रंप ने इस दौरान अमेरिका को भारत का सबसे अच्छा दोस्त बताया और कहा कि पीएम मोदी एक सच्चे चैम्पियन हैं |  वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने संबोधन में डोनाल्ड ट्रंप, मेलानिया की तारीफ की और अमेरिका को सच्चा साथी बताया. | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां अपने संबोधन में कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत की तारीफ की है, आज हम दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में इस कार्यक्रम को संबोधित कर रहे हैं... पीएम बोले कि दो देशों के संबंधों का सबसे बड़ा आधार विश्वास होता है, भारत और अमेरिका के रिश्ते नई ऊंचाईयों पर पहुंचे हैं.| पीएम मोदी बोले कि जब मैं ट्रंप से पहली बार मिला था, तब उन्होंने मुझे कहा था कि भारत का सच्चा दोस्त अब व्हाइट हाउस में हैं|   जब व्हाइट हाउस में दीवाली मनाई जाती है, तो वहां रहने वाले 40 लाख भारतीय मूल के लोग अमेरिका के विकास में हाथ बढ़ाते हैं|  अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने संबोधन में अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाईं|   डोनाल्ड ट्रंप बोले कि भारत-अमेरिका आज दोस्ती के साथ-साथ बिजनेस के क्षेत्र में भी आगे बढ़ रहे हैं...  मैंने और मेलानिया ने आज महात्मा गांधी आश्रम का दौरा किया, जहां पर गांधी ने नमक आंदोलन की शुरुआत की|  डोनाल्ड ट्रंप बोले कि अमेरिका-भारत दोनों एक साथ मिलकर आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ेंगे, इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ अमेरिका लड़ाई लड़ रहा है|  हमारे देश इस्लामिक आतंकवाद का शिकार रहे हैं, जिसके खिलाफ हमने लड़ाई लड़ी है|  डोनाल्ड ट्रंप बोले कि हम आतंक के खिलाफ कड़े एक्शन ले रहे हैं, पाकिस्तान पर भी अमेरिका ने दबाव बनाया है |   पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ एक्शन लेना होगा, हर देश को अपने को सुरक्षित करने का अधिकार है. | अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि अमेरिका में रहने वाले कई बिजनेसमैन गुजरात से आते हैं, ऐसे में अमेरिका के विकास में अहम भूमिका निभाने के लिए हम सभी का शुक्रिया करते हैं... उन्होंने कहा भारत हर साल 2000 से अधिक फिल्में बनाता है, जो बॉलीवुड है| पूरी दुनिया में इसका स्वागत किया जाता है, लोग भांगड़ा-म्यूज़िक का जिक्र करते हैं, लोगों को DDLJ भी काफी पसंद है. डोनाल्ड ट्रंप बोले कि भारत ने दुनिया को सचिन, विराट कोहली जैसे बड़े खिलाड़ी दिए |  अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि पीएम मोदी सिर्फ गुजरात के नहीं बल्कि देश के लिए गर्व हैं, जो असंभव को संभव बना सकते हैं. |  प्रधानमंत्री की अगुवाई में आज भारत तरक्की कर रहा है और ये विकास की यात्रा दुनिया के लिए मिसाल है |   आज भारत अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में बड़ी शक्ति बन गया है |  भारत ने एक दशक के भीतर ही कई करोड़ लोगों को गरीबी की रेखा से बाहर निकाला. |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

  Supporter

रेत खदान के झगडे में उलझे कांग्रेस नेता             मध्यप्रदेश में कांग्रेस नेताओं के रेत कारोबार झगडे की वजह बनते जा रहे हैं  | छतरपुर के खजुराहो में रेत के झगडे में कांग्रेस के  पूर्व विधायक और वर्तमान विधायक के समर्थक आपस में भिड़ गए |  पुलिस मामले की जाँच कर रही हैं  |  छतरपुर के खजुराहो मे काग्रेंस के  पूर्व विधायक और विधायक के समर्थक आपस मे भिड़ गये  और विधायक समर्थको ने  पूर्व  विधायक के समर्थको की लाठी डंडो से गाडियां तोड़ दी और फिर पूर्व विधायक के समर्थको की जमकर पिटाई कर दी  | पूरी घटना पावर हाऊस मे लगे सीसीटीवी कैमरे मे कैद हो गई     राजनगर से काग्रेंस विधायक विक्रमसिंह नातीराजा के समर्थक सूरजपुरा पंचायत की खादान से अवैध रेत निकाल कर टृको से भेज रहे थे , काग्रेस के पूर्व विधायक शंकर प्रताप सिंह बुन्देला के समर्थकों ने इन टृको को रोक लिया ,और दो टृको की चाबियां छीन ली और जाने लगे ,तभी विधायक समर्थको को इसकी सूचना लगी ,तो दो दर्जन विधायक समर्थक पावर हाऊस पहुंच गये और उन्होने पहले  पूर्व  विधायक के समर्थको की तीन  करें तोड़ दी और फिर उनकी जमकर पिटाई कर दी  | लेकिन जब पूर्व  विधायक के पुत्र युवक काग्रेस नेता थाने पहुंचे तो पहले पुलिस ने रिपोर्ट नही लिखी ,लेकिन बाद मे सीसीटीवी के आधार पर पुलिस ने विधायक समर्थक 10 लोगो पर मामला दर्ज कर लिया और बाकी  की सीसीटीवी की मदद से पहचान की जा रही है  |  छतरपुर जिले की सभी खादानो पर रेत निकालने पर पाबंदी कलेक्टर ने लगा रखी है ,लेकिन फिर भी  अवैध रेत का उत्खनन जारी है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 JHUMKA

1966 में आई फिल्म के गाने से हुआ था मशहूर   झुमका गिरा रे बरेली के बाजार में झुमका गिरा रे |  इस गीत ने बरेली को सब की जुबान पर ला दिया |  अब  बरेली को आखिर  झुमका मिल गया है  बरेली में राष्ट्रीय राजमार्ग 24 पर पारसा खेड़ा चौराहे पर 20 फीट ऊंचा झुमका लगाया गया है  |  झुमका गिरा रे |  बरेली के बाजार में | यह शब्द सुनते ही कोई भी इन्हें गुनगुनाने लगेगा, हो भी क्यों ने 1966 में आई फिल्म मेरा साया का यह गाना आज भी उतना ही ताजा है जितना इसे लिखते वक्त था  |   यह गीत मेरा साया में अभिनेत्री साधना पर फिल्माया गया था |  दशकों बीत गए लेकिन इस गाने की मस्ती अब भी कायम है |  इस गाने के बाद एक तो झुमका और दूसरा बरेली ये दो ऐसे नाम थे जो हर किसी की जुबां पर थे  |   गाने के बाद से बरेली के बाजार को नई पहचान मिली और यह दुनिया में मशहूर भी हो गया |  इतने मशहूर होने के बाद इसी बरेली शहर को अब एक झुमका भी मिल गया है  |  जी हां, बरेली में एक चौराहे का नाम झुमका तिराहा रखा गया है और यहां एक विशालकाय झुमका लगाया गया है  | यूपी के बरेली में राष्ट्रीय राजमार्ग 24 पर पारसा खेड़ा  पर 20 फीट ऊंचा झुमका लगाया गया है  | पारसा खेड़ा   पर इतना बड़ा झुमका इसी गीत से प्रेरित होकर लगाया गया है  | इस झुमके का लोकार्पण केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने किया  | यह झुमका ऐसी जगह लगाया गया है जहां इसे दिल्ली से आने वाला हर शख्स देक सकेगा  .|   इसे लगाने की शुरुआत झुमका गिरा रे |  गाने की 50वीं सालगिरह पूरी होने पर की गई थी  |  बरेली विकास प्राधिकरण ने इसे अभिनेत्री साधना को श्रद्धांजलि देने के लिए   लगाया है | बरेली वैसे भी अपनी ऐतिहासिक धरोहरों को लिए मशहूर है और उसके बाद अब यह झुमका तिराहा लोगों के आकर्षण का केंद्र बन जाएगा  |     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 Shaheen Bagh

अनंतकाल तक नहीं हो सकता प्रदर्शन   CAA के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में 58 दिनों से जारी प्रदर्शन के कारण आम जनता को हो रही परेशानी के मद्देनजर सुप्रीम कोर्ट में प्रदर्शनकारियों को सड़क से हटाए जाने की मांग को लेकर दायर याचिकाओं पर आज सुनवाई की गई  |  सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अनंत काल तक प्रदर्शन नहीं हो सकता  |  कोर्ट ने दिल्ली पुलिस और सरकार से इस मामले में एक हफ्ते में जवाब भी मांगा है  |   तीन याचिकाओं पर सुनवाई के साथ ही प्रदर्शन के दौरान मासूम की मौत के मामले में भी सुप्रीम कोर्ट ने खुद संज्ञान लेकर इस पर सुनवाई  की  |  दिल्ली विधानसभा चुनाव में मतदान के पूर्व इन याचिकाओं को दायर किया गया था, जिस पर कोर्ट ने चुनाव बाद सुनवाई किए जाने का कहा था  | बीते शुक्रवार को शीर्ष कोर्ट ने कहा था कि विरोध प्रदर्शन की वजह से सड़क बंद होने की समस्या को वह समझते हैं |  जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस के एम जोसेफ की डबल बेंच ने कहा था 'हम समझते हैं कि समस्या क्या है  |  अब हमारे सामने सवाल यह है कि हम इसे कैसे हल करते हैं?' सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अनंत काल तक प्रदर्शन नहीं हो सकता  | कोर्ट ने दिल्ली पुलिस और सरकार से इस मामले में एक हफ्ते में जवाब भी मांगा है |  इस मामले में अगली सुनवाई 17 फरवरी को होगी  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 Delhi Election Priyanka

प्रियंका से हुआ सवाल तो बोलीं- रिजल्ट देखेंगे   कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा दिल्ली चुनाव के परिणाम देखने के बाद ही अपनी आगे की रणनीति तय करेंगे |  दिल्ली चुनाव  को लेकर जो एक्जीक्ट पोल सामने आये हैं उसके हिसाब से इस चुनाव में कांग्रेस डायलिसिस पर नजर आ रही है  | वाराणसी  में प्रियंका ने  एग्जिट पोल के सवाल को टालते हुए कहा कि रिजल्ट देखेंगे | एग्जिक्ट पोल बताते हैं दिल्ली कांग्रेस के लिए दूर की कौड़ी है  | पोल के मुताबिक पिछले पांच साल में कांग्रेस ने ऐसा कुछ नहीं किया कि दिल्ली की जनता कांग्रेस को वोट दे |  वहीँ आप के कामों को जनता ने पसंद किया है और जनता उसे दूसरी बार मौका देने जा रही है | वहीँ बीजेपी पहले की तुलना में कुछ सुधार करती नजर आ रही है  | इस दौरान प्रियंका  वाड्रा  एक दिवसीय दौरे पर वाराणसी पहुंची  |  एयरपोर्ट से सीधे वह रविदास जयंती के अवसर पर रविदास जन्म स्थली श्री गोवर्धन के लिए रवाना हो गईं |  इस दौरान एग्जिक्ट पोल के सवाल को वे  टालती नजर आयीं |  और कहा रिजल्ट देखेंगे  | प्रियंका के करीबी सूत्रों का कहना है दिल्ली के परिणाम कांग्रेस की दिशा तय करेंगे और दिल्ली के परिणामों को देखकर प्रियंका नए सिरे से कांग्रेस की रणनीति बनाएंगी |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

GIRIRAJ KISHORE DIED

लेखक कथाकार  और आलोचक थे गिरिराज   पद्मश्री से सम्मानित लेखक गिरिराज किशोर का 83 वर्ष की आयु में रविवार सुबह उनके घर पर निधन हो गया  | हिंदी के प्रसिद्ध उपन्यासकार होने के साथ एक कथाकार, नाटककार और आलोचक रहे गिरिराज किशोर ने कालजयी रचना पहला गिरमिटिया लिखी थी, जो महात्मा गांधी के अफ्रीका प्रवास पर आधारित  थी , उनके निधन से साहित्य के क्षेत्र में शोक है |  कानपुर के सूटरगंज में रहने वाले गिरिराज किशोर के सम-सामयिक विषयों पर विचारोत्तेजक निबंध विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से प्रकाशित होते रहे हैं  | साल 1991 में प्रकाशित उनका उपन्यास ढाई घर भी बहुत लोकप्रिय हुआ उसे 1992 में साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला था  | साहित्यकार गिरिराज किशोर का जन्म आठ जुलाई 1937 को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में हुआ था  |  वह I I T कानपुर में 1975 से 1983 तक कुलसचिव भी रहे आईआईटी कानपुर में साल 1983 से 1997 के बीच उन्होंने रचनात्मक लेखन केंद्र की स्थापना की और उसके अध्यक्ष रहे  |  नौकरी के दौरान भी इस साहित्यकार ने अपने लेखन के कार्य को नहीं छोड़ा  और महात्मा गांधी पर रिसर्च जारी रखी  |  गिरिराज किशोर जी के बादा जमींदार थे | मगर, उनको वह पसंद नहीं  था  और इसलिए मुजफ्फरनगर के एसडी कॉलेज से स्नातक करने के बाद वह घर से 75 रुपए लेकर इलाहाबाद आ गए  | इसके बाद फ्री लांसिंग के तौर पर पेपर व मैगजीन के लिए लेख लिखने लगे और उससे मिलने वाली राशि से खर्च चलते थे |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 PM NARENDRA  MODI

मोदी: विकास ही पहली और आखिरी प्राथमिकता   असम के कोकराझार में  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा |  पीएम मोदी ने कहा कि कभी-कभी लोग मोदी को डंडा मारने की बाते कहते हैं, लेकिन जिस मोदी को इतनी बड़ी मात्रा में माताओं-बहनों का सुरक्षा कवच मिला हो उस पर कितने ही डंडे गिर जाएं उसको कुछ नहीं होता |  पीएम मोदी ने कहा, 'अब इस धरती पर किसी भी मां के बेटे-बेटी का, किसी भी बहन के भाई का, किसी भी भाई की बहन का खून नहीं गिरेगा  |  हिंसा नहीं होगी |  अब केंद्र सरकार, असम सरकार और बोडो आंदोलन से जुड़े संगठनों ने जिस ऐतिहासिक  फैसले  पर सहमति जताई है, जिस पर साइन किया है, उसके बाद अब कोई मांग नहीं बची है और अब विकास ही पहली और आखिरी प्राथमिकता है | पीएम मोदी ने कहा, 'सरकार का प्रयास है कि असम अकॉर्ड की धारा-6 को भी जल्द से जल्द लागू किया जाए. | मैं असम के लोगों को आश्वस्त करता हूं कि इस मामले से जुड़ी कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद केंद्र सरकार और त्वरित गति से कार्रवाई करेगी |  इसी दौरान पीएम मोदी ने कहा, 'कभी-कभी लोग मोदी को डंडा मारने की बाते कहते हैं|  लेकिन जिस मोदी को इतनी बड़ी मात्रा में माताओं-बहनों का सुरक्षा कवच मिला हो उस पर कितने ही डंडे गिर जाएं उसको कुछ नहीं होता |  पीएम मोदी ने कहा, 'आज जब बोडो क्षेत्र में, नई उम्मीदों, नए सपनों, नए हौसले का संचार हुआ है, तो आप सभी की जिम्मेदारी और बढ़ गई है|   मुझे पूरा विश्वास है कि 'बोडो टेरीटोरियल कॉउंसिल' अब यहां के हर समाज को साथ लेकर, विकास का एक नया मॉडल विकसित करेगी|  इससे असम भी सशक्त होगा और एक भारत-श्रेष्ठ भारत की भावना भी और मजबूत होगी |     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 PM NARENDRA  MODI

पीठ मजबूत करने जमकर करूंगा सूर्य नमस्कार   राहुल गांधी के डंडे वाले बयान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवाब दिया और कहा  पीठ मजबूत करने के लिए मैं  जमकर सूर्य नमस्कार करूंगा  | संसद में पीएम मोदी ने बताया कि किस तरह  अधीर रंजन चौधरी भारत सरकार की फिट इंडिया स्कीम को प्रमोट कर रहे हैं  |  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण का जवाब दिया  |  इस दौरान विपक्षी नेताओं के साथ पीएम मोदी का रोचक संवाद हुआ  | राहुल गांधी के उस बयान पर भी पीएम ने जवाब दिया जिसमें कांग्रेस नेता ने कहा था कि 6 महीने बाद लोग पीएम को डंडे मारेंगे |   पीएम मोदी ने कहा, 'मैं 6 महीने तक इतना  सूर्य नमस्कार करूंगा कि मेरी पीठ को  डंडे झेलने की आदत हो जाएगी |  वहीं नेता प्रतिपक्ष अधीर रंजन चौधरी  के साथ भी पीएम मोदी का रोचक संवाद हुआ |  जब पीएम बोल रहे थे, तब  चौधरी ने बीच में टोका, तो पीएम ने जवाब दिया  |  अधीर रंजन चौधरी  भारत सरकार की फिट इंडिया स्कीम को प्रमोट करते हैं |  ये भाषण भी करते हैं और जिम भी करते हैं | यह सुनते ही सदन में ठहाके लग गए |   वहीं जब पीएम मोदी बोले रहे थे, तब विपक्ष के नेता महात्मा गांधी अमर रहे के नारे लगा रहे थे  |  इस पर  चौधरी ने कहा कि यह तो अभी ट्रेलर है |  पीएम मोदी का जवाब मिला, आपके लिए महात्मा गांंधी ट्रेलर हो सकते हैं, हमारे लिए गांधीजी जिंदगी है  |  एक अन्य मौके पर जब  चौधरी बोलने उठे तो पीएम मोदी ने कहा कि आप समय ले लीजिए और बोल डालिए, क्योंकि आप बार-बार उठ रहे हैं तो ये पीछे वाले हंस रहे हैं  | मैं नहीं चाहता आपकी प्रतिष्ठा पर असर पड़े  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 SHAHEENBAGH BLUR

  शाहीनबाग भारत की धरती पर कलंक है   शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष और मुस्लिम लीडर वसीम रिज़वी ने शाहीनबाग को भारत की धरती पर कलंक बताया है और कहा है कि CAA का जो लोग विरोध कर रहे हैं वे इंसानियत के खिलाफ है |  CAA को लेकर राजनीति अपनी जगह है लेकिन देश के अधिकाँश लोग इसके समर्थन में सामने आए हैं | कुछ राजनैतिक दल वोट बैंक के चक्कर में CAA  का विरोध कर रहे हैं लेकिन इससे आम लोगों को कोई फर्क नहीं पड़ता | CAA को लेकर जिस शाहीन बाग़ के जरिये राजनीति की जा रही है |  देश के प्रबुद्ध मुस्लिम लीडर भी अब उसके विरोध में सामने आ रहे हैं |  शिया सेंट्रल वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी ने तो  शाहीनबाग को  भारत की धरती पर कलंक बताया है और कहा कि CAA का विरोध इंसानियत के खिलाफ है |  रिज़वी का कहना है कुछ गद्दार कटरपंथियों को छोड़ कर हर हिंदुस्तानी को मोदी जी की हुकूमत पर गर्व है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 AYODHYA CASE

सुन्नी वक्फ बोर्ड को रौनाही में  मिलेगी जमीन   राम मंदिर के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा ऐलान करते हुए मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट की घोषणा कर दी  | इस बीच उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भी कैबिनेट बैठक में बड़ा निर्णय लिया  और सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक कैबिनेट ने बाबरी मस्जिद निर्माण के लिए उत्तर प्रदेश में जगह का चुनाव कर लिया है  |  बैठक में सुन्नी वक्फ बोर्ड को 5 एकड़ जमीन अयोध्या के रौनाही में दी जाना तय हुआ है  |  यह इलाका अयोध्या से लगभग 20 किलोमीटर पहले लखनऊ मार्ग पर स्थित है  |  उत्तर प्रदेश सरकार  द्वारा सुन्नी वक्फ बोर्ड को दी जाने वाली जमीन चिन्हित कर ली गई है  | हालांकि अभी यह तय नहीं है कि वक्फ बोर्ड द्वारा यूपी सरकार की ओर से बाबरी मस्जिद के लिए दी जाने वाली जमीन को स्वीकार किया जाएगा या नहीं   |  वक्फ बोर्ड सुप्रीम कोर्ट के फैसले से नाखुश था  |  इस बीच कई मुस्लिम संगठनों की ओर से जमीन ना लिए जाने को लेकर भी बयान सामने आ चुके हैं  | 7 दशक से भी ज्यादा वक्त से राम मंदिर जन्मभूमि को लेकर चली आ रही खींचतान के बीच सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 9 नवंबर को ऐतिहासिक फैसला सुनाया था  |  बेंच ने राम मंदिर विवाद से जुड़ी जमीन का फैसला राम लला के हक में देते हुए पूरी जमीन का स्वामित्व राम लला का बताया था  |  वहीं दूसरी ओर कोर्ट ने बाबरी मस्जिद के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड को अन्य जगह पर 5 एकड़ जमीन केंद्र सरकार की ओर से मुहैया कराने के निर्देश दिए थे  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 NARENDRA MODI

संसद में लगे जयश्री राम जय जय श्री राम के नारे अधिगृहित भूमि श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को दी   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर बड़ा ऐलान किया...पीएम मोदी ने लोकसभा में कहा कि मेरी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के अनुसार एक बड़ी योजना तैयार की है  | सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार राम मंदिर ट्रस्ट का गठन किया गया है  |  जिसका नाम श्री राम जन्मभूमि  तीर्थ  क्षेत्र रखा गया है  | यह ट्रस्ट अयोध्या में भव्य और दिव्य राम मंदिर निर्माण से जुड़े फैसले लेने के लिए स्वतंत्र होगा  |  साथ ही पीएम ने बताया कि अयोध्या में 5 एकड़ जमीन मस्जिद निर्माण के लिए देने के लिए भी राज्य सरकार ने सहमति दे दी है  |  पीएम ने जैसे ही यह ऐलान किया संसद भवन जयश्री राम के नारों से गूंज उठा  | ट्रस्ट में कुल 15 सदस्य होंगे, जिनमें 1 दलित होगा |  संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कि 9 नवंबर को जिस दिन सुप्रीम कोर्ट ने यह ऐतिहासिक फैसला सुनाया, तब मैं करतापुर में था  |  गुरुनानक देवजी का 550वां प्रकाश पर्व था और बहुत ही पवित्र वातावरण था |  मैंने लौटकर पूरा फैसला जाना और देखा कि किस तरह पूरे देश ने इस फैसले के स्वागत किया है | 'करोड़ों देशवासियों की तरह ही मेरे हृदय के करीब है इस विषय पर बात करना मैं अपना सौभाग्य समझता हूं |  ये विषय श्रीराम जन्म भूमि से जुड़ा हुआ है  |  ये विषय है अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर से जुड़ा हुआ है  |  अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण, वर्तमान और भविष्य में रामलला के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या और उनकी भावनाओं को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा एक और महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है |  हमारी संस्कृति, परंपराएं, हमें वसुधैव कुटुंबकम और सर्वे भवन्तु सुखिनः का दर्शन देती हैं और इसी भावना के साथ आगे बढ़ने की प्रेरणा भी देती हैं  |  मेरी सरकार ने अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण के लिए और इससे संबंधित अन्य विषयों के लिए एक वृहद योजना तैयार की है | 'सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के अनुसार एक स्वायत्त ट्रस्ट 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' का गठन करने का प्रस्ताव पारित किया गया है | ये ट्रस्ट अयोध्या में भगवान श्रीराम की जन्मस्थली पर भव्य और दिव्य श्रीराम मंदिर के निर्माण और उससे जुड़े विषयों पर निर्णय लेने के लिए पूर्ण रूप से स्वतंत्र होगा  |  'हिंदुस्तान में हर पंथ के लोग एक बृहद परिवार के सदस्य हैं  | इस परिवार के हर सदस्य का विकास हो, वो सुखी, स्वस्थ रहे, समृद्ध रहे, देश का विकास हो, इसी भावना के साथ मेरी सरकार सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के सिद्धांत पर चल रही है  | 'आइए, इस ऐतिहासिक क्षण में हम सभी सदस्य मिलकर अयोध्या में श्रीराम धाम के जीर्णोद्धार के लिए, भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए, एक स्वर में अपना समर्थन दें  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 Treason case filed against Urvashi Churiwala

शरजील इमाम की समर्थक हैं उर्वशी चूड़ीवाला शरजील इमाम के समर्थन में लगाए थे नारे   देश के टुकड़े करने के बयान देने वाले  | जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र शरजील इमाम | के समर्थन में नारे लगाने वाली कार्यकर्ता उर्वशी चूड़ावाला पर देशद्रोह का मामला दर्ज कर लिया गया है  |  1 फरवरी को आजाद मैदान में LGBTQ  के कार्यक्रम में  |  जामिया मिल्लिया इस्लामिया में देश विरोधी बयान के आरोप में गिरफ्तार शरजील इमाम के समर्थन में  |  राष्ट्र विरोधी नारे लगाए गए थे  |   रैली में 'शरजील तेरे सपनों को हम मंजिल तक पहुंचाएंगे' नारा लगाने वालों में Urvashi Churiwal सबसे आगे थीं | उसका वीडियो वायरल हो रहा है  |  भाजपा के पूर्व सांसद किरिट सोमैया ने 2 फरवरी को इस बारे में सबूत के साथ शिकायत दर्ज कराई थी और केस नहीं दर्ज करने पर धरने की धमकी दी थी  |  मुंबई के आजाद मैदान पर आजादी मार्च के दौरान शरजील इमाम के समर्थन में  | नारे लगाने वाली उर्वशी चूड़ीवाला के खिलाफ | आजाद मैदान पुलिस थाने में देशद्रोह की धारा में एफआईआर दर्ज की गई है | महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने बताया | उर्वशी ने कुछ लड़कियों के साथ मिलकर देश-विरोधी नारे लगाए थे  | पुलिस ने वीडियो फुटेज की जांच के बाद उर्वशी के खिलाफ मामला दर्ज किया है |  दरअसल, भाजपा नेता किरीट सोमैया ने इस मामले में शिकायत दर्ज कराई थी |  आपको बता दे की मामला क्या हैं दरअसल   | मुंबई में हर साल एलजीबीटी समुदाय समलैंगिकों के अधिकारों को लेकर क्वीर आजादी मार्च निकालता है  |  हमसफर ट्रस्ट की ओर से यह मार्च मुंबई के अगस्त क्रांति मैदान में निकाला जाता है  | लेकिन इस बार पुलिस ने आजाद मैदान में मार्च निकाला गया  | पुलिस ने सीएए और एनआरसी जैसे मुद्दे पर नारेबाजी नहीं करने की हिदायत देकर मार्च लिकालने की अनुमति दी थी  | लेकिन मार्च में जमकर शरजील के समर्थन में नारे लगे थे | आयोजकों ने नारेबाजी की निंदा की थी  | क्वीर आजादी के आयोजकों ने नारेबाजी से खुद को अलग कर लिया था | समलैंगिक संगठन की ओर से बयान जारी कर भड़काऊ और कट्टरपंथी नारों की कड़ी निंदा की गई थी | बता दें कि शरजील इमाम ने दिल्ली के शाहीन बाग में सीएए और एनआरसी के विरोध में जारी धरना प्रदर्शन में असम को भारत से अलग करने की बात कही थी  |  उसके बाद दिल्ली पुलिस ने उसे बिहार से गिरफ्तार किया था  | वही उसकी समर्थन में नारे लगाने वाली उसकी समर्थक  Urvashi Churiwal समेत 50 लोगो पर केस दर्ज किया है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 RAHUL GHANDHI - BJP

बीजेपी ने कहा राहुल को दो कौड़ी की समझ नहीं भाजपा नेता राहुल गाँधी पर हुए  हमलावर     प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर इकानॉमी को लेकर राहुल गाँधी के तंज पर भाजपा अब हमलावर हो गई है  |  भाजपा नेता और रांची विधायक सीपी सिंह के राहुल गांधी को लेकर  कहा कि राहुल गांधी की अपनी समझ दो पैसे या दो कौड़ी की भी नहीं है   | राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए उनका एक पुराना वीडियो जारी किया था जिसमें वह योग कर रहे थे |  इस पर उन्होंने तंज कसा था  |  देश में गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर कांग्रेस मोदी सरकार पर लगातार हमलावर रही है  |  हाल ही में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा देश का आम बजट पेश कर दिया गया  | इसे लेकर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए उनका एक पुराना वीडियो जारी किया था जिसमें वह योग कर रहे  हैं  इस पुराने वीडियो को शेयर करते हुए राहुल ने लिखा था 'डियर पीएम, आपके इस जादुई एक्ससाइज रूटीन को कुछ और बार करें  |  आप नहीं जानते, इससे अर्थव्यवस्था की शुरुआत हो सकती है |   इसके बाद रांची से विधायक सीपी सिंह ने राहुल गांधी के बयान पर टिप्पणी करते हुए कहा कि 'राहुल गांधी ऐसे शख्स हैं जो विरासत में कांग्रेस के नेता बने हैं  | उनकी अपनी समझ तो दो कौड़ी की भी नहीं है  | जो व्यक्ति राफेल की कीमत अलग अलग भाषणों में अलग अलग बताता है वह पीएम मोदी पर तंज कसता है  | उस व्यक्ति की समझ कांग्रेस के एक कर्मचारी से भी कम है  | भाजपा के ही एक अन्य नेता प्रतु सचदेव ने भी राहुल गांधी के खिलाफ बयान देते हुए कहा कि उन्हें अर्थव्यवस्था की उतनी ही समझ है जितनी मुझे रॉकेट साइंस की  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 Hindu Mahasabha

मॉर्निंग वॉक पर 9MM पिस्टल से मारी गोली   लखनऊ के हजरतगंज इलाके मेंअंतरराष्ट्रीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष रंजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या कर दी गई  |  वह अपने एक दोस्त आशीष श्रीवास्तव के साथ मॉर्निंग वॉक के लिए निकले थे  | पहले से घात लगाए बैठे बाइक सवार दो बदमाशों ने सुबह करीब छह बजे उनके सिर में ताबड़तोड़ कई गोलियां मारीं |  उन पर 9एमएम पिस्टल से गोली मारी गई है |  रंजीत की घटनास्थल पर ही मौत हो गई |  इस हमले में उनके दोस्त आशीष भी घायल हुए हैं  |  उन्हें ट्रामा सेंटर में भर्ती किया गया है, जहां उनका इलाज हो रहा है  |  लखनऊ के सबसे व्यस्त इलाके में हुई इस घटना के बाद दहशत का माहौल है  |  मामले की जानकारी मिलते ही मौकाए वारदात पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया  उत्तर प्रदेश की राजधानी में इस हत्याकांड के बाद पुलिस चौकन्नी हो गई है और हमलावरों की सरगर्मी से तलाश कर रही है   बताया जा रहा है कि पुलिस की छह टीम और क्राइम ब्रांच को हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए लगा दिया गया है |  अभी तक हत्या की वजह का खुलासा नहीं हुआ है  |  मूल रूप से गोरखपुर के रहने वाले रंजीत बच्चन हजरतगंज के ओसीआर बिल्डिंग में रहते थे  | वह समाजवादी पार्टी के सांस्कृतिक कार्यक्रम में भी सक्रिय रहते थे  | बताया जा रहा है कि ग्लोब पार्क से निकलने के दौरान उन पर हमला किया गया  |  बाइक सवार बदमाशों ने उनके सिर में गोली मार दी  |  गौरतलब है कि कि पिछले साल हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की हत्या उनके ही घर में घुसकर कर दी गई थी  | दो बड़े हिंदूवादी नेताओं की हत्या के बाद अब यूपी में माहौल गर्मा गया है | इस हत्याकांड ने सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ की कानून व्यवस्था को लेकर किए जा रहे बड़े-बड़े दावों पर सवालिया निशान लगा दिए हैं  | समाजवादी पार्टी के नेता अनुराग भदौरिया ने रंजीत बच्चन की हत्या को लेकर यूपी की भाजपा सरकार पर निशाना साधा है  |   उन्होंने सरकार को निकम्मा करार देते हुए योगी आदित्यनाथ का इस्तीफा मांगा है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 BULLET IN JAMIA

युवक शादाब आलम को गोली लगी   दिल्ली के जामिया इलाके में नागरिकता विरोधी कानून CAA के विरोध में होने जा रही रैली से ठीक पहले एक युवक ने गोली चला दी |  इस घटना में एक युवक घायल हो गया है, जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया  ...  बताया जा रहा है कि शादाब आलम के हाथ में गोली लगी है |  वहीं गोली चलाने वाले  युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है |  नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर के विरोध में जामिया से राजघाट तक मार्च निकाला गया  |  हालांकि, मार्च जैसे ही आगे बढ़ना शुरू हुआ, एक युवक वहां दौड़ते हुए पहुंचा और गोली चलाने से पहले तमंचा लहराने लगा |  प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि वह युवक सुनहरे रंग का कट्टा लिए था और उसने गोली मारने से पहले कहा था कि आओ मैं तुम्हें आजादी दिलाता हूं  | बताया जा रहा है कि वह मार्च के आगे दौड़ते हुए पहुंचा था |  उसने दिल्ली पुलिस से केवल 10 मीटर की दूरी पर शादाब पर गोली चलाई है |  इसके बाद पुलिस ने गोली चलाने वाले  युवक को हिरासत में ले लिया है  |  हमलावर अपना नाम  गोपाल बता रहा है. | पुलिस हमलावर के दावे की जांच कर रही है |  घायल छात्र की पहचान शादाब के तौर पर हुई है.|   हैरान करने वाली बात यह है कि इतनी कड़ी सुरक्षा के व्यवस्था के बाद भी गोली चली. |  पूरे मार्च वाले इलाके में  भारी मात्रा में पुलिस बलों की तैनाती है फिर भी आरोपी युवक ने खुलेआम बंदूक से गोली चलाई. |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 MODI_PAKISTAN

पड़ोसी को हराने में 10 दिन भी नहीं लगेंगे   NCC के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पकिस्तान पर बड़ा हमला बोला और कहा कि  'पड़ोसी को हराने मंक हमें 10 दिन भी नहीं लगेंगे | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली में एनसीसी के  युवा कैडेट्स को संबोधित कर रहे थे |  दिल्ली के करिअप्पा परेड ग्राउंड पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एनसीसी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे  | मोदी ने  एनसीसी कैडेट्स को संबोधित  किया और  कश्मीर का जिक्र करते हुए  कहा कि घाटी में आतंकवादियों ने निर्दोष लोगों को मारा  |  पीएम मोदी ने पाकिस्तान पर भी हमला बोला   उन्होंने कहा कि पड़ोसी देश भारत से प्रॉक्स वॉर लड़ रहा है  |  आजादी के बाद से ही कश्मीर में समस्या बनी हुई है  | तत्कालीन सरकारों को घेरते हुए पीएम ने कहा कि अगर अनुच्छेद 370 अस्थाई था तो उसे हटाया क्यों नहीं गया? पड़ोसी देश को हराने में 10 दिन भी नहीं लगेंगे  |   पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि थके हुए लोग युवा सोच नहीं रख सकते हैं |  उन्होंने कहा कि युवा पढ़ेंगे भी और देश के लिए कुछ करेंगे भी | हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि कुछ लोग समस्या में सुधार नहीं होने देना चाहते हैं  | काम को टालने वाले लोगों के लिए कल कभी नहीं आता है  | आपको सभी जगह ऐसी सोच वाले लोग मिलेंगे  |  कब तक हम पुरानी कमजोरियों को पकड़कर बैठे रहेंगे | उन्होंने देश के युवाओं का जिक्र करते हुए कहा कि आज का युवा देश बदलना चाहता है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

Shashi Tharoor -caa

राज्यों का प्रस्ताव लाना महज एक 'राजनीतिक कदम"   केरल तथा पंजाब विधानसभाओं द्वारा नागरिकता संशोधन कानून  के खिलाफ प्रस्ताव पारित किए जाने तथा कांग्रेस शासित अन्य राज्यों के इसी नक्शे-कदम पर आगे बढ़ने के इशारे के बीच कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने भी एक बड़ा बयान दिया है |  उन्होंने दो टूक कहा कि सी ए ए के खिलाफ राज्यों का प्रस्ताव लाना महज एक 'राजनीतिक कदम" है, क्योंकि नागरिकता प्रदान करने में राज्यों की बमुश्किल ही कोई भूमिका होती है   |  नागरिकता देना सिर्फ केंद्र सरकार का काम है  | कोई भी राज्य नागरिकता नहीं दे सकता  | ऐसे में उनके लागू करने या नहीं करने का कोई मतलब नहीं है  | CAA को लेकर वरिष्ठ कांग्रेसी व पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल भी कह चुके हैं कि राज्य सीएए को लागू करने से इनकार नहीं कर सकते हैं  |  अब कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा  है कि सी ए ए के खिलाफ राज्यों का प्रस्ताव लाना महज एक 'राजनीतिक कदम" है, क्योंकि नागरिकता प्रदान करने में राज्यों की बमुश्किल ही कोई भूमिका होती है  |  नागरिकता देना सिर्फ केंद्र सरकार का काम है  |  कोई भी राज्य नागरिकता नहीं दे सकता  |   थरूर ने हालांकि यह जरूर कहा कि राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर और देशव्यापी राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर को लागू करने में राज्यों की भूमिका अहम होगी, क्योंकि केंद्र के पास उसके लिए पर्याप्त मानव संसाधन नहीं  हैं और राज्यों के अधिकारियों को उस काम में लगाना होगा  |  थरूर ने कहा, CAA को लेकर 'वे राज्य  प्रस्ताव पारित कर सकते हैं या कोर्ट जा सकते हैं लेकिन व्यावहारिक तौर पर वे कर क्या सकते हैं? राज्य यह नहीं कह सकते कि वे सीएए को लागू नहीं करेंगे | वे जो कह सकते हैं, वह यह कि एनपीआर-एनआरसी लागू नहीं करेंगे, क्योंकि उसमें उनकी अहम भूमिका है   'टाटा स्टील कोलकाता लिटरेरी मीट" में शिरकत करने पहुंचे  सांसद थरूर ने कहा, 'इस कानून को खत्म करने के दो ही रास्ते हैं  |  एक- या तो सुप्रीम कोर्ट इसे असंवैधानिक घोषित करते हुए खारिज कर दे और दूसरा तरीका यह है कि सरकार खुद ही इसे रद्द कर दे  | लेकिन दूसरा रास्ता संभव नहीं दिखता  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

  Modi - Chhattisgarh

 छत्तीसगढ़ में पुलिस की सीसीटीएनएस व्यवस्था  प्रशंसनीय   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ में पुलिस की सी सी टी एन एस व्यवस्था की प्रशंसा की है  | दिल्ली से प्रधानमंत्री प्रगति पोर्टल की वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये समीक्षा कर रहे थे  | मोदी ने क्राईम एंड क्रिमिनल नेटवर्क एंड सिस्टमस  समीक्षा के दौरान छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव आरपी मंडल से बात की  | इस दौरान मुख्य सचिव ने प्रधानमंत्री मोदी को बताया कि छत्तीसगढ़ में 90 प्रतिशत पुलिस स्टेशनों को ऑनलाइन कर दिया गया है  |  इस पर प्रधानमंत्री ने छत्तीसगढ़ के इस व्यवस्था की प्रशंसा की  |  वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव आरपी मंडल ने प्रधानमंत्री को जानकारी दी कि छत्तीसगढ़ प्रदेश में 446 पुलिस थाने हैं  | इन पुलिस थानों को कम्प्यूटराइज्ड करके 446 में से 437 को ऑनलाईन किया जा चुका है  | इसमें से नौ थाना पहुंचविहीन क्षेत्र में है |  जिसमें से चार इस महीने में ऑनलाइन हो जाएंगे  | राज्य में 27 हजार पुलिस कर्मियों में से 26 हजार 500 पुलिस कर्मियों को क्राईम एंड क्रिमिनल नेटवर्क एंड सिस्टम्स  के अंतर्गत ट्रेनिंग दी गई है  | प्रधानमंत्री ने इस पूरी व्यवस्था को जाना और छत्तीसगढ़ पुलिस के इस प्रयास की प्रशंसा की  | छत्तीसगढ़ पुलिस ने सी सी टी एन एस से प्रदेश के थानों में दर्ज होने वाले अपराध को आनलाइन करने की व्यवस्था की है  | सिटीजन पोर्टल के माध्यम से घर बैठे अपराध की स्थिति की जानकारी ले सकते हैं    इससे न केवल पुलिस के कामकाज में पारदर्शिता आयी है  | वहीं आम आदमी को अपराधिक रिकार्ड की जानकारी के लिए  पुलिस स्टेशन  का चक्कर काटने से मुक्ति मिली है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 Kangana Ranaut

 माफ़ी की बात करने वाले पैदा करते हैं बलात्कारी   अपनी बेबाकी के लिए चर्चित अभिनेत्री कंगना रनौत ने निर्भया के दरिंदों को चौराहे पर फांसी देने की मांग की है  | कंगना ने  कहा है कि निर्भया के साथ दरिंदगी करने वाले चारों दोषियों को चुपचाप नहीं, बल्कि सरेआम चौराहे पर फांसी दी जाना चाहिए  |  इससे आपराधियों के मन में डर बैठेगा और सबक मिलेगा  | अपनी फिल्म  पंगा के एक प्रमोशन इंवेट पर कंगना  से पूछा गया था कि निर्भया के दोषियों को फांसी देने में हो रही देरी पर आप क्या कहेंगी? इस पर अभिनेत्री ने कहा, यह बहुत दुखद है |  सोचिए निर्भया के माता-पिता पर क्या गुजर रही होगी? आखिर वे गरीब लोग कब तक हाई कोर्ट से सुप्रीम कोर्ट करते रहेंगे? यह  कैसा समाज है? इन दोषियों को तो भरे चौहारे पर फांसी देना चाहिए |  ऐसे लोगों को माफ़ी के सवाल पर कंगना ने कहा जो माफ़ी की बात करते हैं वे खुद बलात्कारी पैदा करते हैं |  निर्भया केस के चारों दोषियों विनय शर्मा, मुकेश सिंह, पवन गुप्ता और अक्षय सिंह के खिलाफ डेथ वारंट जारी हो चुका है, लेकिन तय नहीं है कि उन्हें दिए गए समय पर फांसी होगी या नहीं, क्योंकि दोषियों के वकील अपने अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए एक के बाद एक याचिकाएं दायर कर देरी कर रहे हैं  |  इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट ने 22 जनवरी की फांसी की तारीख तय की थी, लेकिन मुकेश सिंह की दया याचिका राष्ट्रपति के पास लंबित होने के कारण आदेश का पालन नहीं हो सका  | ऐसे में कंगना रनौत के बयान से निर्भया की मां आशा देवी की उस मांग को बल मिला है, जिसमें उन्होंने कहा था कि चारों दोषियों को एक फरवरी को एक साथ फांसी दी जाना चाहिए |  निर्भया की मां कहना है कि वे 7 साल से न्याय के लिए संघर्ष कर रहे हैं, लेकिन अब तक अदालतों में जो कुछ हुआ है, उससे तो उन्हें लगता रहा है कि उन्हें परेशान किया जा रहा है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 PM NARENDRA  MODI

इंडिया रेटिंग्स ने भी घटाया GDP ग्रोथ का अनुमान   इंडिया रेटिंग्स ने वित्त वर्ष 2020-21 में भारत के सकल घरेलू उत्पाद  में सिर्फ 5.5 फीसदी बढ़त होने का अनुमान लगाया है |   पहले एजेंसी को लगता था कि अगले वित्त वर्ष में कुछ सुधार होगा, लेकिन अब उसका कहना है कि भारतीय अर्थव्यवस्था कम खपत और कम निवेश मांग के दौर में फंस गई है |  बजट से पहले आर्थिक हालातों पर लगातार नकारात्मक ख़बरें आ रही हैं   |  अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर मोदी सरकार के लिए एक और झटका है इंडिया रेटिंग्स  का विश्लेषण  |  इण्डिया रेटिंग्स अगले वर्ष के जीडीपी ग्रोथ अनुमान को घटाकर 5.5 फीसदी किया  |  इसके पहले I M F ने इस वर्ष के जीडीपी ग्रोथ अनुमान को 4.8 फीसदी किया था | भारत सरकार के राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय के 5 फीसदी का बढ़त होने का अनुमान लगाया है. | यानी अगले साल भी इसमें बहुत मामूली बढ़त होगी |   पिछले साल नवंबर महीने में फिच समूह की इस रेटिंग एजेंसी ने भारत के जीडीपी में इस वित्त वर्ष यानी 2019-20 में जीडीपी में 5.6 फीसदी की बढ़त होने का अनुमान लगाया था |   इंडिया रेटिंग्स ऐंड रिसर्च के इकोनॉमिस्ट सुनील सिन्हा ने कहा, 'हमें उम्मीद थी कि वित्त वर्ष 2021 में कुछ सुधार होगा, लेकिन जोखिम बना हुआ है जिसकी वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था कम खपत और कमजोर मांग के चक्र में फंसती दिख रही है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 CAA  Supreme court

केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट से मिली राहत       नागरिकता संशोधन एक्ट के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई |  सर्वोच्च अदालत ने इस प्रक्रिया पर तुरंत किसी भी तरह की रोक लगाने से इनकार कर दिया  | इसके साथ ही इस मामले पर दर्ज याचिकाओं को सुनने के लिए संविधान पीठ का गठन किया जा सकता है| केंद्र सरकार को अब इस मामले पर जवाब देने के लिए चार हफ्ते का वक्त मिला है और पांचवें हफ्ते में अब चीफ जस्टिस की बेंच इस मसले को सुनेगी | सुप्रीम कोर्ट ने CAA पर कुल 144 याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए ये फैसला सुनाया |  नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ लगी 140 याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई | चीफ जस्टिस एसए बोबड़े की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय बेंच ने इन याचिकाओं की सुनवाई की|  बेंच में जस्टिस एस अब्दुल नजीर और संजीव खन्ना भी हैं | बेंच ने केंद्र को इन याचिकाओं को लेकर नोटिस जारी किया था |  सरकार की ओर से अटॉर्नी जनरल ने नई 84 याचिकाओं को लेकर जवाब देने के लिए कोर्ट से 6 हफ्ते का वक्त मांगा | सरकार का पक्ष सुनने के बाद कोर्ट ने सरकार को नई याचिकाओं पर जवाब देने के लिए 4 हफ्ते का समय तय किया है |  इस मामले से जुड़ी कोई भी नई याचिका स्वीकार नहीं की जाएगी  | वहीं कपिल सिब्बल ने कहा कि CAA को रद्द किया जाए, अगर ऐसा नहीं हो सकता है तो इसे दो महीने के लिए निलंबित किया जाए  |  इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम इस कानून को रद्द नहीं कर सकते हैं |  निलंंबित करने को भी रोक लगाना माना जाएगा  |  ऐसा हम नहीं कर सकते हैं  |  सुप्रीम कोर्ट ने नागरिकता संशोधन एक्ट के मसले को संविधान पीठ के हवाले करने के संकेत दिए हैं| अब चार हफ्ते के बाद इस मसले पर सुनवाई होगी, जिसमें पीठ का गठन किया जाएगा. | सुप्रीम कोर्ट में अपील की गई थी कि कोई हाई कोर्ट नागरिकता संशोधन एक्ट पर कोई सुनवाई ना करे |  इसपर कोर्ट ने आदेश दिया है कि कोई भी हाई कोर्ट इस मसले पर सुनवाई नहीं करेगी. |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 Triple Murder

ट्रिपल मर्डर में डेढ़ माह की बच्ची की भी हत्या     भिलाई के तालपुरी रुआबांधा में एक ट्रिपल मर्डर  का सनसनीखेज मामला सामने आया है|   यहां मकान नंबर 20 एन में एक महिला और पुरुष की जली हुई लाश मिली, कमरे में ही एक करीब डेढ़ माह की बच्ची का शव भी मिला है  |  तीन लाशें मिलने से रूआबांधा इलाका  चौंक गया  |  जिस मंजू नाम की महिला की लाश मिली है वह इसी घर में रहती थी, डेढ़ माह की बच्ची भी उसी की है   लेकिन पुरुष की लाश की पहचान नहीं हो पाई है, वह मंजू का पति नहीं है  |  पुलिस के मुताबिक मंजू की मां को किसी ने मंजू के ही मोबाइल से फोन कर कहा कि तुम्हारी बेटी और दामाद दोनों जल रहे हैं आकर देख लो  |  इस फोन के बाद मंजू की मां वहां पहुंची तो कमरे में तीनों के शव मिले | यह बात भी सामने आ रही है कि मंजू की यह दूसरी शादी है  | घटना के बाद से उसका पति रवि गायब है |  पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है  |  इस बात की आशंका भी जताई जा रह है कि जिस व्यक्ति की लाश मिली है वह मंजू का प्रेमी हो सकता है  | मंजू का पहला पति भी भिलाई में ही रहता है  | पुलिस इस मामले में संदिग्धों से पूछताछ कर रही है  | यह बात सामने आ रही है कि दोनों को पहले मारा गया और इसके बाद उनके शवों को बांधकर उन्हें जला दिया गया  |  इस दौरान डेढ़ माह की बच्ची भी कमरे में मौजूद रही होगी, जिसकी दम घुटने से मौत हो गई  |  या उसकी भी हत्या कर दी गई  |     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 CAA-SIBAL,KHURSHID

कानून के विरोध को बताया असंवैधानिक   कहने को कांग्रेस CAA का विरोध कर रही हैं लेकिन कानून के जानकार कोंग्रेसी नेताओं ने इशारे -इशारे में पार्टी को नसीहत देते हुए कहा है कि इसका विरोध बेमानी है  | CAA को राज्यों में लागू ना करने को लेकर कांग्रेस के इन नेताओं ने इसे असंवैधानिक बताया है  | सूत्रों का कहना है कि इस बारे में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी बता दिया गया है कि ज़रा सी चूक के कारण कांग्रेस को कुछ राज्यों से सत्ता भी गंवानी पड़ सकती है  |  नागरिकता संशोधन कानून को लेकर  बवाल के बीच कांग्रेस इस मामले पर कुछ सतर्क हो गई है  | अब तक विपक्ष इस कानून को लेकर लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर बना हुआ है |  कांग्रेस भी इसे काला कानून बताते हुए विरोध कर रही है  | इस बीच अब देश की संसद में पास हो चुके इस कानून को लेकर कांग्रेस में ही दो फाड़ होती नजर आने लगी है | संसद में पास हो चुके कानून को लेकर पार्टी के भीतर ही अलग-अलग राय सामने आने लगी है  कांग्रेस में  कानून के विशेषज्ञ नेताओं ने कानून के विरोध को असंवैधानिक बताया है  | कांग्रेस  के आला नेताओं कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद के बाद अब भूपेंद्र हुड्डा का हालिया बयान भी कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ाने वाला है  | सूत्र बताते हैं कि कानून के जानकार नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष तक को बता दिया है कहीं फिजूल के विरोध के कारण हम अपनी कुछ राज्य सरकारें न गँवा दें  | इसके बाद इस मसले पर कांग्रेस कुछ सतर्क हो गई हैं  |  CAA को लेकर कांग्रेस की ओर से जारी विरोध के बीच हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता भूपेंद्र हुड्डा का बयान भी सामने आया है  |  उन्होंने कहा 'देश की संसद में अगर एक बार कोई कानून या एक्ट पास हो जाता है तो संवैधानिक तौर पर मैं सोचता हूं कि कोई भी राज्य को इसे लागू करने से ना नहीं कहना चाहिए और वह ऐसा नहीं कर सकती, हालांकि इसके legally Examined किया जाना चाहिए  | इससे पहले केरल लिटरेचर फेस्टिवल में शामिल हुए कपिल सिब्बल ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर बयान दिया  | उन्होंने कहा कोई भी राज्य नागरिकता संशोधन कानून लागू करने से इंकार नहीं कर सकता है |  संसद में कानून पास होने के बाद अगर कोई राज्य इसे लागू करने से इनकार करते हैं तो यह असंवैधानिक होगा  | हालांकि राज्य इसका विरोध कर सकते हैं और विधानसभा में इसके खिलाफ संकल्प पारित कर सकते हैं  | कपिल सिब्बल के CAA को लेकर बयान देने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद का बयान भी सामने आया है  |  उन्होंने कहा कि इस कानून की संवैधानिक स्थिति संदेहास्पद है  | सुप्रीम कोर्ट ने अगर इसमें हस्तक्षेप नहीं किया तो यह कानून की किताब में कायम रहेगा और इसके चलते उसे सभी को मानना पड़ेगा  |  इन नेताओं के इस इशारे के बाद कांग्रेस दो धड़ों में बंट गई है  | और अब CAA पर फूंक -फूंक के कदम रख रही है  |    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

Ramachandra Guha -Rahul Gandhi

केरल ने राहुल को चुनकर विनाशकारी काम किया राहुल गाँधी  का पीएम मोदी के सामने भविष्य नहीं है   मशहूर इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को लेकर  तीखे शब्दों में कहा है कि राहुल गांधी का  पीएम मोदी के सामने कोई राजनीतिक भविष्य नहीं है  |  केरल लिटरेचर फेस्टिवल में गुहा ने  कहा कि "पांचवीं पीढ़ी के राजवंशी" राहुल गांधी का कर्मठ नरेंद्र मोदी के सामने राजनीति में कोई भविष्य नहीं है  |  केरल ने कांग्रेस नेता राहुल को संसद भेजकर विनाशकारी काम किया है  |  केरल लिटरेचर फेस्टिवल  के दूसरे दिन 'देशभक्ति बनाम अंधराष्ट्रीयता' विषय पर अपनी बात रखते हुए इतिहासकार रामचंद्र  गुहा ने कहा, ' मैं व्यक्तिगत तौर पर राहुल गांधी के खिलाफ नहीं हूं  |  वह अच्छे और संस्कारी हैं। लेकिन, युवा भारत पांचवीं पीढ़ी का राजवंशी नहीं चाहता  |  अगर आप लोग वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव में दोबारा राहुल गांधी को चुनते हैं तो इसके जरिये आप नरेंद्र मोदी को लाभ पहुंचाते हैं  | उन्होंने केरलवासियों की भीड़ को संबोधित करते हुए कहा, 'आप लोगों ने कई गलतियां की हैं, लेकिन राहुल गांधी को लोकसभा में भेजकर आपने विनाशकारी काम किया है  | गुहा ने कहा कि आजादी के दौरान 'महान पार्टी' रही कांग्रेस अब 'दयनीय पारिवारिक कंपनी' बन चुकी है  |  हिदुत्व व अंधराष्ट्रवाद के विकास का यह भी एक महत्वपूर्ण कारण है  |  दूसरी तरफ प्रधानमंत्री मोदी को लेकर गुहा ने कहा, 'नरेंद्र मोदी का सबसे बड़ा लाभ यह है कि वह राहुल गांधी नहीं हैं  |  वे सेल्फमेड हैं  | उन्होंने 15 वर्षों तक एक राज्य को चलाया है  |  उनके पास प्रशासनिक अनुभव है  | वह बेहिसाब मेहनती हैं और कभी छुट्टी पर यूरोप नहीं जाते  | विश्वास करें, मैं ये बातें पूरी गंभीरता के साथ कह रहा हूं  |    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 NIRBHAYA\

इंदिरा और सोनिया गाँधी आई लोगों के निशाने पर      निर्भया केस में दरिंदों को फांसी देने में हो रही देरी के खिलाफ देशभर में गुस्सा है  | इस बीच सुप्रीम कोर्ट की  वकील  इंदिरा जय सिंह ने कहा है कि निर्भया की मां को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी  से प्रेरणा लेना चाहिए और दोषियों को माफ कर देना चाहिए  |  इंदिरा जयसिंह  के इस बयान पर निर्भया की मां आशा देवी ने कहा इंदिरा  ने 7 साल में कभी हमारा हालचाल नहीं पूछा, यह जानने की कोशिश नहीं की कि हम पर क्या बीत रही है और अब माफी की बात कह रही हैं  |  इंदिरा जय सिंह  को  देश से माफी मांगने चाहिए  | वहीं अकाली नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी  सोनिया गाँधी पर निशाना साधा और कहा  सोनिया गांधीन ने सिखों के प्रति कभी दुख जाहिर नहीं किया  |  न माफ़ी मांगी  |  दिल्ली हाई कोर्ट ने जब 22 जनवरी को दी जाने वाली दोषियों की फांसी पर रोक लगाई तो निर्भया की मां का सब्र टूट गया  |  उन्होंने कहा कि अब कानून में उन्हें परेशान कर रहा है |   इसके बाद  इंदिरा जयसिंह  ने ट्वीट किया कि निर्भया की मां को सोनिया गांधी का उदाहरण देखना चाहिए  | निर्भया की मां का दर्द हम सब समझ सकते हैं, लेकिन मैं उन्हें सोनिया गांधी का उदाहरण देखने को कहूंगी जिन्होंने अपने पति की हत्या में शामिल नलिनी को माफ कर दिया है  |  यहां तक कि सोनिया नहीं चाहती कि नलिनी को फांसी की सजा हो  |  इंदिरा  की इस टिप्पणी के बाद सोशल मीडिया पर गुस्सा भड़क गया  | और लोगों ने इंदिरा जय सिंह के साथ सोनिया गाँधी को भी निशाने पर लिया है  | दिलीप पंचौली नामके ट्विटर हैंडल से लिखा गया, 'सोनिया गांधी के अपने पति के हत्यारों को माफ करने में राजनीतिक उद्देश्य निहित है उसका उदाहरण देकर निर्भया की मा को अपनी बेटी के बलात्कारियों को माफ करने की सलाह देते हुए शर्म नहीं आती आपको  | अकाली नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी  सोनिया गाँधी पर निशाना साधा और कहा  सोनिया गांधीन ने सिखों के प्रति कभी दुख जाहिर नहीं किया  | न माफ़ी मांगी  |  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 LCY STORM

जानलेवा साबित हो रही है कश्मीर में बर्फबारी हिमस्खलन से  3 जवान हुए शहीद एक लापता   जम्मू-कश्मीर में लगातार हो रही बर्फबारी जानलेवा साबित हो रही है. | कुपवाड़ा के माछिल सेक्टर में हिमस्खलन के कारण 3 जवान शहीद हो गए हैं, वहीं एक जवान अभी भी लापता है | माछिल सेक्टर में सेना की कई चौकियां हिमस्खलने की चपेट में आई हैं |  सेना के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ऐसी ही एक चौकी में सेना के 5 जवान फंसे हुए हैं. यही नहीं, घाटी में हिमस्खलन की चपेट में आने से 5 लोगों के भी मरने की खबर है. |  सेना के सूत्रों के मुताबिक, पिछले 48 घंटों में हुई भारी बर्फबारी के कारण, उत्तरी कश्मीर में कई जगह हिमस्खलन की घटनाएं सामने आई हैं |  इनमें 3 सैनिकों ने अपनी जान गंवाई है जबकि एक अभी भी लापता है | सेना के सूत्रों के मुताबिक, हिमस्खलन में फंसे कई जवानों को बचाया भी गया है | इसके अलावा मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले में सोनमर्ग के गग्गेनेर क्षेत्र के पास कुलान गांव में हिमस्खलन की चपेट में आने से 5 लोगों की मौत हो गई और कई घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं |  हालांकि, सेना ने इस इलाके में भी अपना बचाव अभियान शुरू कर दिया है | यह इलाका श्रीनगर से सड़क से कटा हुआ है, यही कारण है कि बचाव दल को यहां पैदल ही पहुंचना पड़ा है | कुछ दिन पहले 7 जनवरी को जम्मू और कश्मीर में एलओसी के पास पुंछ जिले में हिमस्खलन हुआ था, जिसमें सेना के एक पोर्टर की मौत हो गई | वहीं तीन अन्य पोर्टर घायल हो गए थे | पुंछ जिले में 7 जनवरी की रात बर्फीला तूफान आया था. इस दौरान पोस्ट पर तैनात पोर्टर इसकी चपेट में आ गए थे | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 MODI PORT

मोदी बोले पोर्ट ने देश को बदलते हुए देखा है मुखर्जी के नाम से जाना जाएगा कोलकाता पोर्ट   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोलकाता के बेलूर मठ से नागरकिता संशोधन कानून के खिलाफ चल रहे विरोध पर फिर अपनी बात रखी |  पीएम मोदी ने कहा कि ये कानून नागरिकता लेने के लिए नहीं बल्कि देने के लिए है | उन्होंने कहा कि ये कानून रातों-रात नहीं बनाया गया बल्कि महात्मा गांधी भी ऐसा चाहते थे |  पीएम ने कहा कि इतनी स्पष्टता के बावजूद कुछ लोग इस कानून को लेकर भ्रम फैला रहे हैं |   पश्चिम बंगाल के सीएम ममता बनर्जी की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि जो बात यहां बैठे बच्चों को समझ में आ गई वह बात राजनीतिक खेल खेलने वालों को समझ में नहीं आती है | पीएम ने कहा कि दरअसल, वे इसे समझना ही नहीं चाहते हैं |  समुद्र तट के विकास के लिए सागरमाला कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ये मानती है कि हमारे Coasts, विकास के  गेटवे  हैं | इसलिए सरकार ने Coasts पर कनेक्टिविटी और वहां के इंफ्रास्ट्रक्चर को आधुनिक बनाने के लिए सागरमाला कार्यक्रम शुरू किया है |  इस योजना के तहत करीब 6 लाख करोड़ रुपए से अधिक के पौने 6 सौ प्रोजेक्ट्स की पहचान की जा चुकी है | इनमें से 3 लाख करोड़ रुपये से अधिक के 200 से ज्यादा प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है और लगभग सवा सौ पूरे भी हो चुके हैं| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज के इस अवसर पर, मैं बाबा साहेब आंबेडकर को भी याद करता हूं, उन्हें नमन करता हूं. डॉक्टर मुखर्जी और बाबा साहेब, दोनों ने स्वतंत्रता के बाद के भारत के लिए नई नीतियां दी थीं, नया विजन दिया था |  लेकिन ये देश का दुर्भाग्य रहा कि डॉक्टर मुखर्जी और बाबा साहेब के सरकार से हटने के बाद, उनके सुझावों पर वैसा अमल नहीं किया गया, जैसा किया जाना चाहिए था | पीएम मोदी  ने कहा कि कोलकाता का ये पोर्ट भारत की औद्योगिक, आध्यात्मिक और आत्मनिर्भरता की आकांक्षा का प्रतीक है.| ऐसे में जब ये पोर्ट डेढ़ सौवें साल में प्रवेश कर रहा है, तब इसको न्यू इंडिया के निर्माण का भी एक प्रतीक बनाना आवश्यक है. |  पीएम ने कहा कि पश्चिम बंगाल की, देश की इसी भावना को नमन करते हुए मैं कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट का नाम, भारत के औद्योगीकरण के प्रणेता, बंगाल के विकास का सपना लेकर जीने वाले और एक देश, एक विधान के लिए बलिदान देने वाले डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर करने की घोषणा करता हूं |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 WINTER SET

पचमढ़ी में तापमान 2 डिग्री हुआ   मध्यप्रदेश होशंगाबाद का एक मात्र हिल स्टेशन पर्यटकों के लिए रोमांच का केंद्र बन गया हैं  |  एक तो सर्दी का सितम हों और दूसरी तरफ अब पचमढ़ी मने बर्फ जमने लगी हैं  | जिसका पर्यटक भरपूर मजा ले रहे हैं  | .   मध्यप्रदेश में कई सालों बाद जोरदार ठण्ड ने लोगो को हिला कर रख  दिया हैं  | मप्र के एक मात्र हिल स्टेशन पर सर्दी का सितम हर रोज बढ़ रहा हैं  |  पचमढ़ी के मैदानी इलाकों में बर्फ जम चुकी हैं  | पचमढ़ी का तापमान 2 डिग्री हो गया हैं  | पचमढ़ी क्षेत्र की झीलों के किनारे बर्फ की चादर बिछ चुकी हैं  | बर्फ लोगो के घरों में  | खुले मैदान में  | पेडों पर  यहाँ तक की गाड़ियों पर भी  बर्फ जम चुकी हैं  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 ARMY CHIEF

सुरक्षा के साथ कोई  समझौता नहीं किया जा सकता   भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे ने कहा कि अगर संसद चाहे तो पीओके  पर भी कार्रवाई करेंगे | सेना प्रमुख ने कहा, 'यह एक संसदीय संकल्प है कि संपूर्ण कश्मीर भारत का हिस्सा है.| अगर संसद ने कहा कि वो क्षेत्र  भी हमारा होना चाहिए और हमें उस आशय के आदेश दे तो हम उसके लिए उचित कार्रवाई करेंगे |  देश के नए आर्मी चीफ जनरल मुकुंद नरवणे ने शनिवार को अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में विश्वास भरा पैगाम देते हुए कहा कि सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है, सुरक्षा के साथ किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जा सकता.|उन्होंने कहा संसद चाहे तो पीओके  पर भी कार्रवाई करेंगे.|सेना प्रमुख ने कहा, 'यह एक संसदीय संकल्प है कि संपूर्ण कश्मीर भारत का हिस्सा है. |   आर्मी चीफ ने कहा कि सीडीएस का बनना महत्वपूर्ण कदम है, सीडीएस के गठन से सेना को मजबूती मिलेगी|उन्होंने कहा कि तीनों सेनाओं के बीच तालमेल जरूरी है, हम भविष्य की चुनौतियों और खतरों को ध्यान में रखकर प्लानिंग करेंगे और प्राथमिकता के हिसाब से बजट का इस्तेमाल किया जाएगा. |  आर्मी चीफ ने कहा कि हम क्वॉन्टिटी पर ध्यान ना देकर क्वॉलिटी पर फोकस करेंगे.|     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 INCIDENT 30 LIVES

ट्रक बस की टक्कर में बस जली   कनौज में भीषण सड़क हादसा हुआ  |  यहां ट्रक से भिड़ंत के बाद एसी बस में आ लग गई  |  बस में कुल 50 यात्री सवार थे, जिनमें   20 से ज्यादा लोगों   के जिंदा जल जाने की खबर है |  प्रशासन  ने करीब 20 यात्रियों के मरने की पुष्टि की है  | ये संख्या 30 तक हो सकती है | 20 यात्रियों को बचा लिया गया है  | कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया है कि हादसा  कन्नौज के जीटी रोड हाइवे पर हुआ  |  डबल डेकर बस और ट्रक में जबरदस्त टक्कर हो गई, जिसके बाद दोनों वाहनों में भीषण आग लग गई  | हादसे के वक्त ज्यादातर यात्री बस में सो रहे थे  बस कन्नौज के गुरसहायगंज से जयपुर जा रही थी  | 26 यात्री गुरसहायगंज और 17 यात्री छिबरामऊ से सवार हुए थे | मृतकों में कुछ यात्रियों के शव पूरी तरह जल चुकी हैं |  उनकी पहचान करना भी मुश्किल है  |   पीएम नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कांग्रेस नेता राहुल गांधी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह  ने हादसे पर दुख प्रकट किया है और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है  |  आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया, बस में करीब 45 यात्री सवार थे |  25 को बचा लिया गया है | इनमें से 12 को मेडिकल कॉलेज तिरवा में भर्ती कराया गया है | 2 यात्री पूरी तरह स्वस्थ्य थे, जिन्हें घर भेज दिया गया है  | 18 से 20 यात्री लापता हैं  | आईजी मोहित अग्रवाल के मुताबिक, शव बहुत बुरी तरह जल चुके हैं  |  डीएनए टेस्ट से उनकी पहचान की जाएगी और इसके बाद ही मृतकों की सही आंकड़ा पता चलेगा  | शुरुआती जांच में बस में 8 से 10 शव नजर आ रहे हैं, लेकिन वे भी बुरी तरह जल चुके हैं  | एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि बस खचाखच भी थी |  हो सकता है उसमें 60 यात्री सवार हों  .| टक्कर के बाद आग लगी और अफरा-तफरी का माहौल बन गया |  लोगों ने बस से निकलने की कोशिश की, लेकिन 10-12 लोग ही उतरने में कामयाब हो सके और बाकी लोग फंस गए और जिंदा जल गए |  प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार सुबह ट्वीट कर कहा, उत्तर प्रदेश के कन्नौज में हुए भीषण सड़क हादसे के बारे में जानकर अत्यंत दुख पहुंचा | इस दुर्घटना में कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. | मैं मृतकों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट करता हूं |   साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं. | मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जताया है और कोहरे को हादसे की वजह बताया. | सरकार की ओर से मृतकों के परिवार को 2 लाख और घायलों को 50 हजार मुआवजा दिया जाएगा |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 CASE FILED ON AISHI GHOSH

महज पांच मिनट के अंदर दोनों एफआईआर दर्ज     जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी  में पांच जनवरी की शाम हुई हिंसा के कुछ देर बाद ही दिल्ली पुलिस ने स्टूडेंट यूनियन की अध्यक्ष आइशी घोष के खिलाफ दो एफआईआर दर्ज की थीं.|आइशी पर गार्ड के साथ मारपीट और सर्वर रूम में तोड़फोड़ के मामले दर्ज किए गए. | ये दोनों ही घटनाएं कैंपस में तोड़फोड़ और मारपीट से दो दिन पहले की थीं |  जेएनयू प्रशासन ने 3 जनवरी और 4 जनवरी को वसंत कुंज पुलिस स्टेशन को दो शिकायतें दी थीं. |  इनमें जबरन सर्वर रूम में घुसने और सुरक्षाकर्मियों को उनकी ड्यूटी से रोकने और बदसलूकी का आरोप लगाया था. |  इसी शिकायत के आधार पर आइशी घोष के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है|  लेकिन हैरानी की बात ये है कि ये दोनों एफआईआर महज 5 मिनट के अंदर दर्ज की गईं | हॉस्टल फीस के खिलाफ जेएनयू में लंबे समय से आंदोलन चल रहा था |  इसी बीच रजिस्ट्रेशन का वक्त आ गया और जेएनयू प्रशासन ने 1 से 5 जनवरी के बीच नए सत्र के लिए रजिस्ट्रेशन कराने का फैसला किया. | लेफ्ट विंग से जुड़े छात्र संगठन इस फैसले का विरोध करते रहे और प्रशासन पर हॉस्टल फीस वापसी का दबाव बनाने लगे | इसी क्रम में छात्र यूनिवर्सिटी के सर्वर रूम तक पहुंच गए |  जेएनयू प्रशासन ने पुलिस को दी गई शिकायत में आरोप लगाया है एडमिन ब्लॉक के नजदीक सर्वर रूम में छात्र जबरन घुसे, वहां की बिजली सप्लाई काट दी और सर्वर को बंद कर दिया गया |  इसके अलावा शिकायत में आरोप लगाया गया कि जब गार्ड ने छात्रों को रोकने की कोशिश की तो उनके साथ भी मारपीट की गई. |  शिकायत में कई छात्रों के नाम के साथ जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष का भी नाम दिया गया, जिसके बाद  उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई|  j n u  में रविवार शाम  नकाबपोश लोगों ने हॉस्टलों में घुसकर न सिर्फ तोड़फोड़ की बल्कि छात्रों और टीचर्स को भी पीटा  | इस हमले में आइशी घोष भी जख्मी हुईं. | बताया जा रहा है लेफ्ट विंग के छात्रों ने ही इस घटना को अंजाम दिया है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 DELHI ASSEMBLY ELECTION

11 फरवरी को आएंगे दिल्ली के  नतीजे   चुनाव आयोग ने दिल्ली चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी है |  मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि दिल्ली में 8 फरवरी को चुनाव होगा  | यह एक चरण में होगा और  11 फरवरी को नतीजे आएंगे |  दिल्ली में 13 हजार 750 मतदान केंद्रों पर वोट डाले जाएंगे  |  2020 में दिल्ली में 1 करोड़ 46 लाख 92 हजार 136 वोटर्स हो गए हैं जो चुनाव में अपने मत का प्रयोग  करेंगे |  दिल्ली में 2689 जगहों पर वोटिंग की जाएगी और  90 हजार सरकारी कर्मचारी चुनाव प्रबंधन संभालेंगे | चुनाव  आयुक्त ने बताया कि बुजुर्ग लोग पोस्टल बैलेट के जरिये भी वोट डाल सकेंगे  |  इसके लिए उन्हें 5 दिन पहले फॉर्म जमा करना होगा |  चुनाव घोषणा के साथ दिल्ली में आदर्श आचार संहिता तत्काल लागू हो गई है  | 14 जनवरी को चुनाव के लिए नोटिफिकेशन होगा |  21 जनवरी तक उम्मीदवार पर्चा दाखिल कर सकेंगे  |  22 जनवरी को स्क्रूटनी होगी | आठ फरवरी को मतदान होगा और उसके बाद 11 फरवरी को चुनाव के परिणाम आएंगे  |  दिल्ली में पिछले विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने अन्य दलों का पूरी तरह से सूपड़ा साफ कर दिया था | अरविंद केजरीवाल की अगुवाई में आप पार्टी ने दिल्ली की 70 सीटों में से 67 सीटों पर कब्जा जमा लिया था |  इस बार भाजपा AAP को यह प्रदर्शन दोहराने नहीं देना चाहेगी |  इसी वजह से भाजपा ने दिल्ली में अपना चुनावी कैंपेन तेज कर दिया है | वहीं दूसरी ओर सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी सूबे की जनता के लिए कई लोक लुभावन घोषणाएं कर दी हैं | लोकसभा चुनाव में बड़ी सफलता हासिल करने वाली भाजपा विधानसभा चुनाव में लगातार पिट रही है |  मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान गंवाने के बाद हाल ही में भाजपा के हाथ से महाराष्ट्र और झारखंड की सत्ता भी जा चुकी है |  ऐसे में भाजपा के लिए दिल्ली चुनाव को जीतना काफी चुनौती भरा रह सकता है    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 CAA Kerala Legislative Assembly

CAA के खिलाफ केरल विधानसभा में एक प्रस्ताव पास किया इस प्रस्ताव की कोई कानूनी या संवैधानिक वैधता नहीं है   CAA के खिलाफ केरल विधानसभा  ने एक प्रस्ताव पास किया | इसके बाद केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद ने कहा  नागरिकता केंद्र का विषय है, राज्य का नहीं| |   केरल विधानसभा ने जो  प्रस्ताव  पास किया  इस प्रस्ताव की कोई कानूनी या संवैधानिक वैधता नहीं है |  नागरिकता संशोधन कानून  के खिलाफ केरल विधानसभा में एक प्रस्ताव पास किया गया था. |   इस पर केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि इस प्रस्ताव की कोई कानूनी या संवैधानिक वैधता नहीं है, क्योंकि नागरिकता विशेष रूप से एक केंद्र का विषय है  |  इसका वास्तव में कुछ महत्व नहीं है. |  उन्होंने कहा  'यह हैरान करने वाली बात है कि जिस सरकार ने संविधान की शपथ ली है, वह गैर संवैधानिक बात कर रही है कि नागरिकता संशोधन कानून राज्य में नहीं लागू होने देंगे |  यह कानून संसद द्वारा पारित है |  नागरिकता देना या लेना संविधान की सातवीं अनुसूची का विषय है और इस पर कानून बनाने का अधिकार सिर्फ संसद को है. | संसद नागरिकता संबंधी किसी विषय पर कानून बना सकती है |  केरल विधानसभा ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रस्ताव पारित किया था, जिसका मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की अगुवाई वाले वाम मोर्चा और कांग्रेस की अगुवाई वाले संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा ने भी समर्थन किया था. |  हालांकि बीजेपी ने इसका कड़ा विरोध किया था |   केरल  की  140 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी का सिर्फ एक विधायक है |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

  Hardik Pandya Engagement

नताशा को घुटने के बल बैठकर प्रपोज किया था   भारतीय क्रिकेटर हार्दिक पांड्या और एक्ट्रेस नताशा स्टेनकोविच के साथ  सगाई  कर ली है और दोनों ही जल्द शादी के बंधन में बंधेंगे  | हार्दिक ने दुबई में एक लग्जरी याट पर नताशा को घुटने के बल बैठकर प्रपोज किया  | अब इस वाकये को वीडियो वायरल हो गया है  |  हार्दिक और नताशा के फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर धूम मचा रहे हैं  |  हार्दिक ने नताशा का हाथ पकड़े हुए फोटो शेयर कर अपने रिलेशनशिप पर मुहर लगाई  | उन्होंने इसका कैप्शन दिया था, 'मेरे फायरवर्क के साथ नए साल की शुरुआत  | इसके बाद हार्दिक ने शाम को नताशा के साथ फोटो पोस्ट कर सगाई की जानकारी दी  | इस फोटो में नताशा सगाई की रिंग दिखाती हुई नजर आ रही हैं |  हार्दिक ने इसका कैप्शन दिया, 'मैं तेरा, तु मेरी जाने, सारा हिन्दुस्तान  | नताशा ने इसके बाद हार्दिक द्वारा सगाई के लिए प्रपोज करते हुए वीडियो शेयर किया |  इस वीडियो में दुबई के समुद्र में लग्जरी याट पर हार्दिक घुटनों के बल बैठकर नताशा को प्रपोज करते हुए नजर आ रहे हैं  | बैकग्राउंड में रोमांटिक सॉन्ग 'ऐ मेरे हमसफर' सुनाई आ रहा है, नताशा उनके प्रपोजल को स्वीकार कर उन्हें किस करती है  | उन्होंने इस वीडियो को कैप्शन दिया, हमेशा के लिए हां  |  हार्दिक पांड्या सितंबर 2019 से पीठ दर्द के चलते क्रिकेट से दूर है  |  वे इस चोट से उबर रहे हैं  | उन्हें इस महीने न्यूजीलैंड दौरे पर भारत ए टीम में शामिल किया गया है |  भारत ए टीम को 22 से 26 जनवरी के बीच तीन वनडे खेलना है  | बिग बॉस फेम नताशा स्टेनकोविच ने टीवी रियलिटी शो 'नच बलिए' में अपने एक्स बॉयफ्रेंड एली गोनी के साथ हिस्सा लिया था  |  वे म्यूजिक वीडियो 'डीजे वाले बाबू मेरा गाना बजा दे ' में भी नजर आई थी  |     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

  Politics on the death of children

मायावती ने प्रियंका गांधी वाड्रा को बताया 'नाटकबाज'   कोटा के सरकारी जेके लोन हॉस्पिटल में बीते दिसंबर महीने में मरने वाले बच्चों की संख्या 100 तक पहुंच गई है  | इस मामले पर कांग्रेस चुप्पी साधे हुए है  ऐसे में बीएसपी प्रमुख मायावती ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह उत्तर प्रदेश में तो गरीब पीड़ित माओं से जाकर मिलती हैं  | | लेकिन जहां उनकी पार्टी की सरकार है, वहां जाकर मृतक बच्चों की माओं से नहीं मिलती हैं  |  ऐसे में यूपी पीड़ितों के परिवारों से मिलना उनका राजनीतिक स्वार्थ और कोरी नाटकबाजी ही मानी जाएगी |  कोटा के सरकारी अस्पताल में बच्चों की मौतों का सिलसिला थम नहीं रहा है  | यहाँ बीते दो दिन में नौ बच्चों की मौत हुई है  | सरकारी जेके लोन अस्पताल में बीते  दिसंबर में  मरने वाले बच्चों की संख्या बढ़कर 100 तक पहुंच गई है  | बीते दिसंबर में अस्पताल में बच्चों की मौत की संख्या का आंकड़ा डराने वाला है |  बच्चों की मौत के मामले के तूल पकड़ने के बाद गहलोत सरकार ने हरकत में आते हुए अस्पताल अधीक्षक को हटाते हुए तीन सदस्यीय जांच कमेटी बनाई है  |  इस बीच अस्पताल की व्यवस्थाओं को लेकर लापरवाही भी सामने आ रही है  | सीएम गहलोत और स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कहा था कि कोटा के आसपास के जिलों से गंभीर हालत में लाकर बच्चों को भर्ती कराया गया था इसमें नजदीकी राज्य मध्यप्रदेश के बच्चे भी शामिल थे  | अब इस मसले पर सियासत भी गरमाने लगी है |  बसपा सुप्रीमो मायावती ने बच्चों की मौत के मामले में गहलोत सरकार के उदासीन और असंवेदनशील रवैये का जिक्र करते हुए सभी को गैरजिम्मेदार बताया है  | इसके साथ ही मायावती ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह उत्तर प्रदेश में तो गरीब पीड़ित माओं से जाकर मिलती हैं लेकिन जहां उनकी पार्टी की सरकार है, वहां जाकर मृतक बच्चों की माओं से नहीं मिलती हैं  |  ऐसे में यूपी पीड़ितों के परिवारों से मिलना उनका राजनीतिक स्वार्थ और कोरी नाटकबाजी ही मानी जाएगी | वहीं भाजपा की आईटी सेल की ओर से भी सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी पर इस घटना को लेकर हमला बोला गया है  |  सवाल उठाया गया है कि कोटा में सरकारी अस्पताल में लगातार बच्चों की मौत हो रही है लेकिन सोनिया और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवारों से मिलने के लिए कोटा नहीं जा रही हैं  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 SHIVSENA CONGRESS

अनुशासन की कमी वाली पार्टी है कांग्रेस   महाराष्ट्र में शिवसेना कांग्रेस में तनातनी शुरू हो गई है  | शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' में लिखा गया है कि कांग्रेस में अनुशासन की कमी है |  यह पार्टी रोड़े अटकाती है |  जाहिर है शिवसेना ने कांग्रेस को तरीके से काम करने की नसीहत दे दी है  |  यह पहला मौका है जब सरकार बनाने के बाद शिवसेना ने कांग्रेस को आडे़ हाथ लिया है | महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने मिलकर सरकार तो बना ली, लेकिन मंत्रिमंडल विस्तार होते ही तनातनी शुरू हो गई है  | कांग्रेस के वे नेता नाराजगी जाहिर कर चुके हैं, जिन्हें उद्धव कैबिनेट में जगह नहीं मिली   पुणे में तो कांग्रेस दफ्तर तक में  तोड़फोड़  की गई  | अब शिवसेना ने इस बहाने कांग्रेस पर निशाना साधा है  |  पार्टी मुखपत्र 'सामना' में लिखा गया है कि कांग्रेस में अनुशासन की कमी है  |  यह पार्टी रोड़े अटकाती है  | इस पर कांग्रेस ने अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है  |  करीब 34  दिन पहले महाराष्ट्र में यह खिचड़ी सरकार बनी है और सरकार बनने के बाद यह पहला मौका है जब शिवसेना ने कांग्रेस पर निशाना साधा है  | बीती 30 दिसंबर को महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल विस्तार हुआ था |  तब शिवसेना के 12, एनसीपी के 14 और कांग्रेस के 10 विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली थी | इसके बाद पृथ्वीराज चव्हाण, नसीम खान, प्रणीति शिंदे, अमीन पटेल और संग्राम थोराट जैसे नेता नाराज बताए गए   | संग्राम थोराट के समर्थकों ने तो पार्टी के पुणे कार्यालय में तोड़फोड़ भी की |  ये नेता केंद्रीय नेतृत्व के करीबी मल्लिकार्जुन खड़गे पर आरोप लगा रहे हैं  | इनका कहना है कि खड़गे ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को गलत जानकारी दी, जिससे वे नेता मंत्री बन गए, जिन पर चुनाव के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने का आरोप था  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 Delhi violence - BJP charges

कांग्रेस :बीजेपी बंद करे लोगों को गुमराह करना   CAA पर दिल्ली में हुई हिंसा के लिए बीजेपी ने आप और कांग्रेस को दोषी ठहराया है  |  बीजेपी ने कहा कांग्रेस के आसिफ खान और AAP के अमानतुल्ला  में लोगों को उकसाया  | इस आरोप पर कांग्रेस ने  पलटवार करते हुए कहा- अब बीजेपी  लोगों को  गुमराह करना बंद करे  |  दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून   के खिलाफ हुए प्रदर्शनों के दौरान हिंसा के मामले में आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेज हो गया है |  भारतीय जनता पार्टी  ने दिल्ली में हिंसा के लिए कांग्रेस और सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी को जिम्मेदार ठहराया है.|  केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि दिल्ली जैसे शांतिपूर्ण शहर में जो हिंसा हुई उसके लिए सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ज़िम्मेदार है, क्योंकि ये लोग झूठी जानकारी फैला रहे हैं और हिंसा पर चुप हैं | जावडेकर ने कहा कि दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के लोग हिंसा के लिए उकसाने का काम करते हैं. | बीजेपी नेता ने कहा कि दिल्ली के जामिया में कांग्रेस के आसिफ खान और आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला पर आरोप है कि उन्होंने जनता को उकसाया |  दिल्ली के सीलमपुर में कांग्रेस के मतीन अहमद और आम आदमी पार्टी के इशराक खान मौजूद थे. |   जामा मस्जिद में कांग्रेस के महमूद पारचा मौजूद थे. | इस हिंसा की वजह से हुए नुकसान के लिए आम आदमी पार्टी और कांग्रेस को माफी मांगनी चाहिए |  कांग्रेस नेता जे. पी. अग्रवाल ने बीजेपी नेता प्रकाश जावडेकर पर पलटवार किया है. |  उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेताओं पर आगजनी का आरोप लगाने वाले पहले ये बताएं कि बीजेपी के कितने नेताओं के खिलाफ रेप के मुकदमें दर्ज हैं. | दिल्ली हिंसा मामले में बीजेपी के पास जांच का अधिकार है | बीजेपी को जांच कराने से मना कौन कर रहा है. | अग्रवाल ने कहा कि अब बीजेपी को लोगों को गुमराह करना बंद कर देना चाहिए |    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 CHANDRAYAAN  3

चंद्रयान-3 को सरकार से मिली मंजूरी   ISRO चीफ के सिवन ने पुष्टि कर दी है कि चंद्रयान तीन  को केंद्र सरकार की मंजूरी मिल गई है और इस पर काम जारी है | चंद्रयान तीन इसी साल चाँद के सफर पर रवाना होगा | |  2019 में चांद के लिए छलांग लगाने वाला भारत भले ही विक्रम लैंडर की सफल लैंडिंग नहीं करवा पाया हो लेकिन इस साल ISRO फिर यही कोशिश करने वाला है  | इसकी पुष्टि खुद इसरो चीफ के सिवन ने की  है  | भारत 2020 में Chandrayaan-3 लॉन्च करेगा   | केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इस पर Chandrayaan-2 से कम लागत आएगी   | कहा Chandrayaa-2 को विफल कहना सही नहीं है, इससे हमने बहुत कुछ सीखा है  | चंद्रमा की सतह पर पहुंचने का भारत का यह पहला प्रयास था | इसरो चीफ के सिवन ने नए साल के पहले ही दिन मीडिया से बात करते हुए इस मिशन की पुष्टि की है और कहा है कि Chandrayaan-3 पर इसरो काम कर रहा है  |  हमने चंद्रयान-2 में अच्छी प्रगति दिखाई  | भले ही हम चांद की सतह पर सफलतापूर्वक नहीं उतर पाए लेकिन चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर अब भी काम कर रहा है और अगले सात साल तक यह काम करता रहेगा |  जिससे कई तरह का डेटा मिलेगा |  ISRO चीफ ने यह भी बताया कि सेकंड स्पेस पोर्ट के लिए जमीन अधिगृहण शुरू हो चुका है और यह तमिलनाडु के थुथुकुड़ी में स्थित होगा  |     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 CDS BIPIN RAWAT

सेना प्रमुख की कमान मुकुंद नरवाणे ने संभाली   तीन साल तक देश की सेना के प्रमुख रहने के बाद जनरल बिपिन रावत रिटायर हो गए  उनकी जगह लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे ने देश के नए सेना प्रमुख के रूप में कमान संभाल ली है  |  वहीं बिपिन रावत देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ  की जिम्मेदारी संभालेंगे | थल सेना प्रमुख के पद से सेवानिवृत्ति के ठीक एक दिन पहले सरकार ने जनरल बिपिन रावत को सीडीएस नियुक्त किए जाने का एलान किया  |  जनरल बिपिन रावत के सीडीएस बनने के बाद उनकी भूमिका तीनों सेनाओं और सरकार के बीच समन्वयक की रहेगी  |  सीडीएस का कार्यकाल तीन साल का होगा | सीडीएस पद सृजित किए जाने के बाद से ही जनरल बिपिन रावत को पहला सीडीएस बनाए जाने की चर्चा थी  | सरकार ने सीडीएस के लिए अधिकतम उम्र सीमा को बढ़ाकर 62 से 65 साल कर दिया था  |  कारगिल युद्ध के बाद से ही सैन्य क्षेत्र में इस तरह के पद की मांग उठ रही थी  |  उस समय रिपोर्टों में यह सामने आया था कि सेनाओं के बीच समन्वय की कमी के कारण युद्ध में ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा था  |  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल 15 अगस्त को यह पद सृजित करने का एलान किया था और 24 दिसंबर को कैबिनेट की बैठक में इसे मंजूरी दी गई  | जनरल बिपिन रावत के नाम कई उपलब्धियां हैं  |  बतौर सेना प्रमुख उन्होंने सैन्य सुधारों की दिशा में कई कदम उठाए  | जम्मू-कश्मीर में सीमापार आतंकवाद से निपटने के लिए उन्होंने आक्रामक रणनीति अपनाई |  पाकिस्तान और चीन से लगी नियंत्रण रेखा और पूर्वोत्तर में उन्होंने कई सैन्य अभियानों में भूमिका निभाई है  |  जनरल रावत कांगो में एक मल्टीनेशनल बिग्रेड की कमान भी संभाल चुके हैं |  सीडीएस की भूमिका रक्षा व इससे जुड़े मामलों में प्रधानमंत्री व रक्षा मंत्री के एकीकृत सलाहकार की होगी | इसके लिए रक्षा मंत्रालय में "डिपार्टमेंट ऑफ मिलिट्री अफेयर्स" के नाम से नया विभाग गठित होगा और सीडीएस इसके सचिव होंगे  |  यह विभाग केवल सैन्य क्षेत्र से जुड़े मामले देखेगा  | सीडीएस का उद्देश्य सेनाओं को ट्रेनिंग, स्टाफ व अन्य अभियानों के लिए एकीकृत करना होगा  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

CM Soren

11वें CM बने हेमंत, 3 मंत्रियों ने भी ली शपथ   झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने रांची में झारखंड के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली |  इसके साथ ही हेमंत सोरेन राज्य के 11वें मुख्यमंत्री बन चुके हैं. |  सोरेन के शपथ समारोह में  राहुल गांधी, डीएमके अध्यक्ष स्टालिन, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी शामिल  हुईं |  राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू ने हेमंत सोरेन को मुख्यमंत्री के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ दिलवाई  | झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने रांची में झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली  है  | पाकुड़ से कांग्रेस के विधायक आलमगीर आलम ने हेमंत सरकार कैबिनेट में मंत्रीपद की शपथ ली है. आलमगीर आलम झारखंड के स्पीकर भी रह चुके हैं. | प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने मंत्री पद की शपथ ली | आरजेडी के विधायक सत्यनंद भोक्ता ने मंत्री पद की शपथ ली. |  हेमंत सोरेन के शपथ समारोह के दौरान मंच पर विपक्ष के तमाम बड़े नेता मौजूद रहे |  नई सरकार के शपथ समारोह में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, पूर्व राज्यसभा सांसद शरद यादव, राज्यसभा सांसद संजय सिंह, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, सुबोध कांत सहाय, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत समेत तमाम बड़े नेता मौजूद रहे |  इसके अलावा डीएमके नेता एमके स्टालिन, जेएमएम नेता और हेमंत सोरेन के पिता शिबू सोरेन, पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह मौजूद थे |  झारखंड के अलग राज्य बनने की लड़ाई हेमंत सोरेन के पिता शिबू सोरेन ने ही लड़ी थी |  सोरेन परिवार पर झारखंड की जनता का विश्वास ही ऐसा है कि पांच साल बाद एक बार फिर से सोरेन परिवार झारखंड की राजनीति का सत्ता केंद्र बन गया है | आदिवासी हित और अलग राज्य का झंडा बुलंद करने वाले शिबू सोरेन झारखंड के मुख्यमंत्री पद पर तीन बार आसीन रहे. |  इसके अलावा एक बार हेमंत सोरेन भी राज्य की सत्ता संभाल चुके हैं |  ऐसे में यह पांचवीं बार होगा जब सोरेन परिवार का सदस्य मुख्यमंत्री की कुर्सी पर  बैठा है  |       

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 Swami Vishveshthirth passed away

स्वामी विश्वेशतीर्थ  सेवा और आध्यात्म के पुरोधा थे   कर्नाटक के पेजावर मठ के प्रमुख और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  और उमा भर्ती  के आध्यात्मिक गुरु स्वामी विश्वेश तीर्थ का रविवार सुबह 88 वर्ष की आयु में निधन हो गया है | सुबह साढ़े नौ बजे उन्होंने उडुप्पी में अंतिम सांस ली  | नरेंद्र मोदी के पहली बार पीएम बनने के बाद स्वामी तीर्थ उनसे मिलने दिल्ली गए थे और मोदी के दूसरे शपथ ग्रहण में भी शामिल हुए थे  | पीएम मोदी ने उनसे गुरु पूर्णिमा के मौके पर आखिरी मुलाकात का जिक्र करते हुए निधन पर शोक जताया है |  बीजेपी नेता उमा भारती और पीएम नरेंद्र मोदी जैसे नेताओं के आध्यात्मिक गुरु पेजावर स्वामी विश्वेश तीर्थ का निधन हो गया  | पेजावर स्वामी विश्वेश तीर्थ के निधन पर प्रधानमंत्री ने ट्वीट  कर  लिखा  है  ''उडुपी श्री पेजावर मठ के श्री विश्वेश तीर्थ स्वामी उन लाखों लोगों के दिल और दिमाग में हमेशा रहेंगे, जो उन्हें अपना मार्गदर्शक मानते हैं  |  वे सेवा और आध्यात्म के पुरोधा थे  |  वे एक न्यायपरक और दयाभाव रखने वाला समाज बनाने के लिए निरंतर कार्यशील रहे। ओम शांति  , 20 दिसंबर को सांस लेने में तकलीफ होने के बाद स्वामी जी को अस्पताल में भर्ती करवाया गया था  | शनिवार को उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई थी  | रविवार सुबह ही पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी की दिग्गज नेता उमा भारती उनका हालचाल जानने उडुपी पहुंची थीं पेजावर स्वामी के उनके पार्थिव शरीर को   अजराकाडू महात्मा गांधी मैदान में  लोगों के  अंतिम दर्शन के लिए रखा गया  | उसके बाद शाम को  स्वामी विश्वेश तीर्थ का अंतिम संस्कार किया गया  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 Weather in cold

सर्दी में बढ़ गई टूरिस्टों की संख्या   बुंदेलखंड इलाका इस समय ठण्ड की चपेट में हैं  | लोग सर्दी से परेशान हैं  | ऐसे में खजुराहो में सैलानियों की संख्या बढ़ गई है | और खासकर विदेशी सैलानी जमकर तफरीह कर मौसम का मजा ले रहे हैं  |  छतरपुर मे मौसम मे आई ठिठुरन से जहां लोग घरो मे दुबके रहते है | कोहरे का आलम ऐसा है कि दोपहर तक कुछ नजर नहीं आता | वहीँ  विश्व पयर्टक स्थल खजुराहो मे इस समय पयर्टकों की संख्या मे जबरदस्त  उछाल आया है ,सभी होटल अभी से बुक है  | मौसम मे घने कोहरे की वजह से लोग घर से निकलने से डर रहे है ,वही खजुराहो मे पयर्टक सुबह से ही घने कोहरे मे मौसम का मजा लेने निकल पडते है  |  इतना ही नही जहां जबरदस्त ठंड पडी हो ,तो पयर्टक चंदेल कालीन मंदिरो को देखने मंदिरो  भी  पहुंच रहे हैं  |  ठंड  के  चलते यहां के टूरिस्ट गाईड भी बडे खुश है ,उनका मानना है कि ठंड मे इतनी ठिठुरन के बाद भी पयर्टको की संख्या मे जबरदस्त बढी है ,सभी देशी विदेशी पयर्टक इसका मजा ले रहे है ,वही पयर्टक भी मौसम की ठंडक से खुश है  |           

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

 TRINGA YATRA

भारत के नागरिकों के हित में है CAA   नागरिकता संशोधन कानून का विरोध ही नहीं अब समर्थन भी जम कर रो रहा हैं  | पूरे  देश में लोग इस बिल के समर्थन में रैलियां निकाल कर नागरिकता संशोधन बिल का समर्थन कर रहे हैं | राजनंदगांव शहर में नागरिकता संशोधन बिल के समर्थन में  तिरंगा यात्रा निकाली गई और इस अधिनियम को भारत के नागरिकों के हित में बताया  |  नागरिकता संशोधन बिल और एनआरसी को लेकर आम लोगों के मन में कई तरह के सवाल हैं  | एक खेमा इसके विरोध में हैं | एक खेमा पक्ष में हैं |   नागरिकता संशोधन कानून को केंद्र सरकार का एक बेहतर कदम बताते हुए राजनांदगांव शहर में इस बिल के पक्ष में तिरंगा यात्रा निकाली गई  |  जिसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए और केंद्र सरकार के द्वारा लाए गए इस अधिनियम को भारत के नागरिकों के पक्ष में बताया  |  इस दौरान यात्रा में शामिल राजनांदगांव के सांसद संतोष पांडे ने कहा कि इस बिल के आने से भारत में पड़ोसी देशों से आय