Since: 23-09-2009

  Latest News :
देश में फिर फैला कोरोना, राजधानी दिल्ली में संक्रमण दर 15 फीसदी.   दिल्ली में एमसीडी के एकीकरण के प्रस्ताव को मिली मंज़ूरी बीजेपी को बड़ा फायदा .   पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बैनर्जी मिली पीएम मोदी से .   पंजाब हरियाणा में बारिश का अलर्ट.   उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग शुरू .   RBI ने फिर बढ़ाया रेपो रेट , 5.40 फीसदी हुआ .   CM की क्लास बच्चों के साथ .   पुलिस लहरा रही तिरंगा .   आम लोगो के लिये खुले राजभवन के दरवाजे .   पाखंडियों के सहारे सनातन को बदनाम करती है कांग्रेस.   संसार की सबसे कीमती दौलत है .   अपना दल (एस) को राज्यस्तरीय पार्टी का दर्जा.   युवक कांग्रेस चुनाव में फर्जी सदस्यता का भंडाफोड़.   कलेक्टर की डीपी लगाकर ठगी का प्रयास .   लिव इन में रह रहा युवक शिकायत पर गिरफ्तार .   शिक्षक ,सहायक शिक्षक पदों के लिए सातवे दौर का सत्यापन .   स्टील ,पावर प्लांट कारोबारियों पर आयकर का छापा.   पीएम मोदी की बैठक में जायेंगे सीएम और राज्यपाल .  

देश की खबरे

देश में  फिर फैला कोरोना, राजधानी दिल्ली में संक्रमण दर 15 फीसदी

देश में कोरोना एक बार फिर पैर पसार रहा है। एक बार फिर कोरोना के आंकड़े बढ़ते नज़र आ रहे है। भारत में रविवार को 15,760 नए केस सामने आयें हैं। जिसके बाद देश में कोरोना के केस 4 करोड़ से आगे बढ़ गए हैं। साथ ही राजधानी दिल्ली में कोरोना बड़ी तेज़ी से पैर पसार रहा है। राजधानी में  पिछले 24 घंटों के दौरान 2423 नए कोरोना केस मिले हैं साथ ही संक्रमण दर 15 फीसदी के करीब पहुंच गई है। पिछले 10 दिन कोरोना रेट दोगुना हुआ और 22 लोगों की मौत हो गयी। दिल्ली में लगातार 5वें दिन मरीजों की संख्या बढ़कर 2000 के पार निकल गयी है।      

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 August 2022

दिल्ली में एमसीडी के एकीकरण के प्रस्ताव को मिली मंज़ूरी बीजेपी को बड़ा फायदा

दिल्ली में कैबिनेट ने तीनो नगर निगमों के एकीकरण को लेकर संसद में विधेयक पेश करने की मंज़ूरी दे दी है। जिससे एमसीडी के एकीकरण का रास्ता साफ़ हो गया है।हाल ही में गृह मंत्रालय ने एक प्रेस विज्ञप्ति में तीनों MCD के एकीकरण वजह बताई थी।  जिसमे मंत्रालय ने वेतन का भुगतान न करने पर और देनदारियों के असमान वितरण के कारण, कर्मचारी बार-बार हड़ताल क्र देते हैं जिससे नगर निगमों के कार्यों  का संतुलन बिगड़ता है और यही वजह है की इन संस्थाओं का एकीकरण जरूरी है। बताया  जा रहा है की केंद्र सरकार इसी बजट सत्र में इस बिल को संसद में पेश करेगी। इस बिल को लेकर केंद्र सरकार की राज्य चुनाव आयुक्त से पहले चर्चा हो चुकी है। जिससे निकाय चुनावों में देरी हो सकती है। साथ ही आम आदमी पार्टी ने इसे सियासी चाल कहते हुए , बीजेपी पर निशाना साधा है। आप ने कहा की बीजेपी को दिल्ली के चुनाव हार जाने का डर है। इसलिए बीजेपी ये हथकंडे अपना रही है , नहीं तो , तीनों नगर निगमों का एकीकरण कभी भी किया जा सकता था , लेकिन इस समय ये कराना MCD के चुनाव में देरी करना है। इससे निश्चित ही भाजपा को फायदा हो गए क्योंकि अगर संसद में इस बिल को मंजूरी मिल जाती है तो  तीन एमसीडी पूर्व, उत्तर और दक्षिण एक हो जाएंगे और तीनो पर बीजेपी पहले से काबिज़ है। जिससे बीजेपी को बड़ा फायदा हो सकता है। लेकिन आप का दावा है की दिल्ली में  BJP की हार तय है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 August 2022

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बैनर्जी मिली पीएम मोदी से

  सीएम ममता बैनर्जी और पीएम मोदी की मुलाकात अहम पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दिल्ली में मुलाकात की। ममता बनर्जी की पीएम से मुलाकात को लेकर कयासों का बाजार गर्म है। इस मौके पर ममता बनर्जी ने राज्य के वस्तु और  सेवा कर के बकाये सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। ममता बनर्जी सात अगस्त को नीति आयोग की बैठक में शामिल होंगी। जिसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे।  बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा होगी जैसे कृषि, स्वास्थ्य और अर्थव्यवस्था शामिल हैं।  आपको बता दें  करोड़ों के अवैध लेन-देन और भ्रष्टाचार के मामले में ममता बनर्जी के एक मंत्री ईडी की गिरफ्त में हैं। अगर पैसों का लेन-देन पार्टी फंड में होना साबित हुआ, तो ममता बनर्जी की भी मुसीबत बढ़ सकती है। बंगाल भाजपा के सीनियर नेता और पूर्व राज्यपाल रहे तथागत रॉय ने पीएम नरेंद्र मोदी  से कहा है कि उन्हें जनता को ये साफ तौर पर समझाना चाहिए कि उनकी ममता बनर्जी से कोई सीक्रेट अंडरस्टैंडिंग नहीं है।  टीएमसी के भ्रष्ट नेताओं के साथ कोई रियायत नहीं बरती जाएगी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 August 2022

पंजाब हरियाणा में बारिश का अलर्ट

  एमपी , केरल कर्नाटक, तेलंगाना में होगी जोरदार बारिश   मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश समेत कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।   हरियाणा , पंजाब के लिए अलर्ट जारी किया गया  है। पूर्वी मध्यप्रदेश में भी अच्छी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने आज भी कई दिनों में अच्छी बारिश की संभावना जताई है। देश के लगभग सभी राज्यों में मानसून पहुंच चुका है। केरल, कर्नाटक और तेलंगाना जैसे राज्यों में जबरदस्त बारिश हो रही है, वहीं उत्तर भारत में दिल्ली से लेकर यूपी तक और पंजाब से लेकर राजस्थान तक बीते दिन यानी शुक्रवार को झमाझम बारिश देखने को मिली है। IMD ने जम्मू-कश्मीर, पंजाब, हरियाणा में 5 से 9 अगस्त के बीच भारी बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुसार पूर्वी राजस्थान में 08 और 09 अगस्त को जबकि पश्चिमी राजस्थान में 7 से 9 अगस्त को भारी बारिश की संभावना जताई है। वहीं एक बार फिर कोरोना पैर पसार रहा है।  भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 19,406 नए मामले सामने आए है।   19,928 लोग ठीक हुए। देश में अभी कोरोना के सक्रिय मामले 1,34,793 हैं और दैनिक पॉजिटिविटी दर 4.96% है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 August 2022

उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग शुरू

उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग शुरू  पीएम मोदी समेत सांसदों ने किया वोट  नए उप-राष्ट्रपति के लिए चुनाव के लिए मतदान शुरू हो गया  है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  संसद भवन पहुंचकर उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए सबसे पहले वोट किया । गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी, केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी अपना वोट डाला। केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और केंद्रीय संसदीय कार्य और संस्कृति राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल भी उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए वोट डाल चुके हैं। उपराष्ट्रपति चुनाव में एनडीए की ओर से जगदीप धनखड़ मैदान में हैं, वहीं विपक्ष ने मार्गरेट अल्वा पर दांव लगाया है। हालांकि राष्ट्रपति चुनाव की तरह उपराष्ट्रपति चुनाव में भी यह टक्कर एकतरफा नजर आ रही है। आंकड़ों के मामले में इस मुकाबले में जगदीप धनखड़ सबसे आगे हैं। उपराष्ट्रपति चुनाव में कुल वोटों की संख्या 788 है। इसमें लोकसभा के 543 और राज्यसभा के 243 वोट हैं। उपराष्ट्रपति का चुनाव जीतने के लिए कम से कम 394 वोटों की जरूरत होती है। वहीं खबर है कि  TMC उपराष्ट्रपति चुनाव में मतदान नहीं करने जा रही है। टीएमसी के कुल 36 सांसद वोट नहीं देंगे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 August 2022

RBI ने फिर बढ़ाया रेपो रेट , 5.40 फीसदी हुआ

  महंगाई काबू करने तीन बार बढ़ा रेपो रेट  रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने आज एक बार फिर रेपो रेट बढ़ाने का फैसला किया है।  वैश्विक अर्थव्यवस्था के असर के चलते महंगाई बढ़ी हुई है। महंगाई पर काबू करने के लिए मई माह से अभी तक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया तीन बार रेपो रेट में बढ़ोतरी कर चुका है।   इसका सीधा असर बैंकों के ग्राहकों को मिलने वाले लोन पर होता है। मई से अभी तक तीसरी बार  रेपो रेट बढ़ी है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने कोरोना काल में करीब दो साल तक रेपो रेट को 4 फीसदी पर स्थिर रखा था। लेकिन मई माह से RBI ने सस्ते कर्ज का दौर समाप्त कर दिया और रेपो रेट बढ़ाने का सिलसिला शुरू कर दिया। मई माह में रेपो रेट को 0.40 फीसदी बढ़ाकर 4.40 फीसदी किया। जून में रेपो रेट को 0.50 फीसदी बढ़ाया गया। अगस्त में फिर रेपो रेट को 0.50 फीसदी बढ़ाया गया। 3 माह में अभी तक 1.40 फीसदी रेपो रेट बढ़ाई जा चुकी है।  अब रेपो रेट बढ़कर 5.40 फीसदी हो चुका है। गौरतलब है कि  खुद बैंकों को लोन महंगा मिल रहा है तो ऐसे में बैंक इसका भार सीधे अपने ग्राहकों पर डालते हैं।  बैंक भी अपनी ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर देते हैं। इस कारण कार लोन, होम लोन, पर्सनल लोन आदि महंगे हो जाते हैं।   रेपो रेट बढ़ने से  EMI हर माह बढ़ जाती है

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 August 2022

छोटे रॉकेट स्मॉल सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल होगा लांच

 रॉकेट आजादीसैट 7 को होगा लांच , लोगों में उत्साह    स्वतंत्रता के 75वें वर्ष का जश्न मनाने के लिए भारत अपनी तैयार है। इस अवसर पर इसरो अपने छोटे रॉकेट स्मॉल सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल को पहली बार 7 अगस्त को लॉन्च करेगा। भारतीय राष्ट्रीय अंतरिक्ष संवर्द्धन और प्राधिकर केंद्र ने ट्वीट कर बताया कि देश के 75 स्कूलों से 750 छात्राएं नए प्रक्षेपण यान एसएसएलवी की प्रथम उड़ान के प्रति उत्साहित हैं। यह रॉकेट आजादीसैट को अन्य सैटेलाइट के साथ अंतरिक्ष में ले जाएगा। सैटेलाइट को विकसित करने वाले स्पेस किड्स इंडिया में मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी रीफत शाहरुख ने बताया कि साइंस, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और मैथ्स में महिलाओं को बढ़ावा देने के लिए यह पहला अंतरिक्ष अभियान है।इसरो का SSLV-D1/EOS-02 सैटेलाइट श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से रविवार को उड़ान भरेगा। इस दिन 75 स्कूलों की 750 छात्राओं द्वारा निर्मित 'आजादीसैट' लॉन्च होने वाला है। इसे SSLV के जरिए अंतरिक्ष में भेजा जाएगा। आजादी सैट सैटेलाइट का वजन आठ किलोग्राम है। इसमें अपने ही सोलर पैनल की फोटो खींचने के लिए कैमरे लगे हैं। साथ ही लंबी दूरी के संचार ट्रांसपोंडर भी है। यह सैटेलाइट 6 महीने तक कार्य करेगा। आजादी के अमृत महोत्सव को देश पूरे धूम धाम से मनाएगा।  सभी घरों में भी तिरंगा लहराया जाएगा।  वहीं एसएसएलवी की प्रथम उड़ान लेकर देश में भी ख़ासा उत्साह है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 August 2022

कांग्रेस ने किया देशव्यापी प्रदर्शन

  प्रियंका वाड्रा ने बैरिकेट को लांघा  कांग्रेस ने महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन किया । दिल्ली में जुटे पार्टी के बड़े नेताओं ने मार्च निकाला।  इस दौरान झूमा झटकी हुई। पुलिस ने रोका तो कांग्रेसियों ने  गिरफ्तारी दी। राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा समेत 64 बड़े नेता हिरासत में लिए गए। प्रियंका वाड्रा भी एक्शन में दिखीं। प्रियंका वाड्रा ने बैरिकेट को लांघा जिस पर  पुलिस ने उन्हें खींचकर गाड़ी में बैठा दिया । इससे पहले दिल्ली में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी ने कहा कि देश में लोकतंत्र खत्म हो चुका है। रोज लोकतंत्र की हत्या हो रही है। हम महंगाई और बेरोजगारी जैसे आम जनता के मुद्दे उठाना चाहते हैं, लेकिन सरकार हमें दबा रही है। गिरफ्तार कर रही है। उन्होंने कहा  कांग्रेस ने 70 साल में जो बनाया था उसे 8 साल में मोदी सरकार ने ख़त्म कर दिया है। देश में लोकतंत्र की हत्या हो रही है और सब तमाशा देख रहे है हैं। वहीं  पूर्व कानून मंत्री और वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी को लोकतंत्र की चिंता सता रही है, जिनकी दादी ने देश में इमरेंजसी लगाई थी। कांग्रेस के राज में देश ने लोकतंत्र की हत्या देखी है। कांग्रेस के राज में भ्रष्टाचार हावी था।    राहुल गाँधी ने ये भी कहा कि मोदी सरकार चाहती है कि आम लोगों के मुद्दे - चाहे महंगाई, बेरोजगारी, समाज में हिंसा - को नहीं उठाया जाना चाहिए। 4-5 लोगों के हितों की रक्षा के लिए एजेंडा चलाया जा रहा है।  यह तानाशाही 2-3 बड़े व्यापारियों के हित में 2 लोगों द्वारा चलाई जा रही है। राहुल ने कहा मेरा काम आरएसएस के विचार का विरोध करना है और मैं इसे करने जा रहा हूं। जितना अधिक मैं यह करूंगा, उतना ही मुझ पर आक्रमण होगा, मुझ पर उतना ही अधिक आक्रमण होगा। मैं खुश हूं, मुझ पर हमला करो। वहीं  अकबर रोड में  कांग्रेस के प्रदर्शन को रोकने के लिए बैरिकेड्स लगाए गए।  जंतर मंतर को छोड़कर नई दिल्ली जिले के पूरे इलाके में सीआरपीसी की धारा 144 लागू की गई 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 August 2022

इसी  महीने शुरू हो सकती हैं 5 G सर्विसेस

  2 GB की मूवी 10 से 20 सेकेंड में डाउनलोड होगी  खबरे हैं कि इसी माह से देश में 5 G सर्विसेस शुरू हो सकती हैं। जियो सभी 22 दूरसंचार सर्किलों में एकमात्र ऑपरेटर है जिसने प्रीमियम 700 मेगाहर्ट्ज बैंड में 5जी स्पेक्ट्रम खरीदा है। इसी के चलते जियो ने 5जी की रेस में शुरुआती बढ़त हासिल कर ली है। टेलिकॉम एक्सपर्ट्स के मुताबिक लो-फ्रीक्वेंसी बैंड की वजह से इसके सिग्नल इमारतों के अंदर तक पहुंच सकते हैं। इसलिए यह इनडोर कवरेज के लिए उपयुक्त है। 5G टेलीकॉम सेवाओं की शुरुआत से पहले 4G के टैरिफ बढ़ सकते  है।  टैरिफ में 30% की बढ़ोतरी हो सकती है । इसके बाद, 5G के लिए प्रीमियम टैरिफ चार्ज किया जाएगा। सोमवार को खत्म हुई 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी में 1.5 लाख करोड़ रुपये की बोली लगाई गई। शुरुआत दूसरी सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी एयरटेल करने जा रही है। इसके लिए कंपनी ने एरिक्सन, नोकिया और सैमसंग के साथ एग्रीमेंट साइन किया है। उधर, जियो ने भी 15 अगस्त को पूरे देश में 5G नेटवर्क सर्विस लॉन्च करने के संकेत दिए हैं। 5G लॉन्च होने के बाद इंटरनेट की स्पीड बढ़ जाएगी। 5 G सर्विसेस शुरू होने से  यूजर तेज स्पीड इंटरनेट इस्तेमाल कर सकेंगे। 2 GB की मूवी 10 से 20 सेकेंड में डाउनलोड हो जाएगी।वीडियो गेमिंग के क्षेत्र में 5G के आने से बड़ा बदलाव होगा। इंटरनेट कॉल में आवाज बिना रुके और साफ-साफ आएगी। कृषि क्षेत्र में खेतों की देखरेख में ड्रोन यूज संभव होगा। इसके साथ ही मेट्रो और अन्य जगहों में भी फायदे होंगे।  अब ग्राहकों को इंतज़ार है 5 G सर्विसेस का। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 August 2022

राहुल गांधी ने कहा मैं पीएम मोदी से नहीं डरता

  हमेशा देश हित में काम करता रहूंगा   नेशनल हेराल्ड से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के केस में प्रवर्तन निदेशालय की टीम एक बार फिर नेशनल हेराल्ड के  दफ्तर पहुंची।  बुधवार को हेराल्ड हाउस स्थित यंग इंडिया के दफ्तर को प्रवर्तन निदेशालय ने सील कर दिया गया। ईडी के अनुसार फिलहाल इसे अस्थायी तौर पर सील किया गया है। एसोसिएटेड जर्नल लिमिटेड (एजेएल) का मालिकाना हक यंग इंडिया के पास ही है। मालिकाना हक के ट्रांसफर की पूरी प्रक्रिया की ईडी जांच कर रही है।  मंगलवार को नेशनल हेराल्ड समेत यंग इंडिया के दफ्तर की भी तलाशी ली थी। इसके बाद कांग्रेस मुख्यालय, सोनिया गांधी और राहुल गांधी के घर के बाहर पुलिस तैनात कर दी गई। जिसको लेकर कांग्रेस भड़की हुई है। वहीं  संसद की कार्रवाई के दौरान मुद्दे को लेकर विपक्षी दलों ने हंगामा किया । राहुल गांधी ने कहा कहा कि हम नरेंद्र मोदी से नहीं डरते हैं। उन्हें जो करना है, कर ले, हम नहीं डरेंगे। संसद में हमें बोलने नहीं दिया जा रहा है। प्रदर्शन करने से भी रोका जा रहा है, लेकिन सच्चाई की बैरिकेटिंग नहीं की जा सकती है। गौरतलब है की नेशनल हेराल्ड मामले में राहुल गाँधी और सोनिया गाँधी से ED लगातार पूछताछ कर रही है।  ईडी कांग्रेस के कोषाध्यक्ष पवन बंसल और राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे से भी पूछताछ कर चुकी है। मंगलवार को सुबूतों की तलाश में ईडी ने नेशनल हेराल्ड के साथ ही यंग इंडिया और उसे एक करोड़ की राशि ट्रांसफर करने वाली कोलकाता स्थित कंपनी के ठिकानों की भी तलाशी ली थी। वहीं राहुल गगांधी का पीएम मोदी पर दिया बयान अब जोर पकड़ रहा है। राहुल गांधी  ने कहा है  मैं प्रधानमंत्री से नहीं डरता, मैं हमेशा देश हित में काम करता रहूंगा। सुन लो और समझ लो।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 August 2022

 ED ने संजय राउत की पत्नी को भेजा समन

   पात्रा चॉल जमीन और मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़ा मामला  मुंबई पात्रा चाल जमीन घोटाले में  जांच जारी है। पात्रा चॉल जमीन और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में संजय राउत के बाद अब ईडी ने उनकी पत्नी वर्षा राउत को समन भेजा है। वर्षा राउत के खाते में हुए संदिग्ध लेन-देन को लेकर ईडी उनसे पूछताछ करने वाली है।  पात्रा चॉल जमीन घोटाला मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शिवसेना के सांसद संजय राउत बुरी तरह मुश्किल में फंस गए हैं।  ईडी के अधिकारियों ने संजय राउत को विशेष अदालत में पेश किया। कोर्ट के आदेश पर राउत को 8 अगस्त तक फिर ईडी की रिमांड में भेज दिया गया है। आपको बता दें शिवसेना सांसद संजय राउत  पात्रा चॉल जमीन घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में फंसे हैं।  प्रवर्तन निदेशालय  ने उन्हें गिरफ्तार किया है।   राउत के घर से 11.5 लाख कैश मिले हैं।  इस कैश का राउत हिसाब नहीं दे पाए।  जिसके बाद ED ने उसे जब्त कर लिया। गौरतलब है कि  पात्रा चॉल जमीन घोटाले की शुरुआत 2007 से हुई।  महाराष्ट्र हाउसिंग एंड डिवलपमेंट अथॉरिटी यानी म्हाडा  प्रवीण राउत, गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन और हाउसिंग डेवलपमेंट एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड की मिली भगत से यह घोटाला होने का आरोप है।  2007 में म्हाडा ने पात्रा चॉल के रिडिवेलपमेंट का काम गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन को दिया।  यह कंस्ट्रक्शन गोरेगांव के सिद्धार्थ नगर में होना था।  म्हाडा की 47 एकड़ जमीन में कुल 672 घर बने हैं।  रीडिवेलपमेंट के बाद गुरु आशीष कंपनी को साढ़े तीन हजार से ज्यादा फ्लैट बनाकर देने थे।  म्हाडा के लिए फ्लैट्स बनाने के बाद बची हुई जमीन को प्राइवेट डिवलपर्स को बेचना था।  14 साल के बाद भी कंपनी ने लोगों को फ्लैट बनाकर नहीं दिए। आरोप लगाए जा रहे हैं कि कि गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन ने फ्लैट बनाने की बजाए 47 एकड़ जमीन को आठ अलग-अलग बिल्डरों को बेच दी।  इससे कंपनी ने 1034 करोड़ रुपये कमाए।  मार्च 2018 में म्हाडा ने गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई।  मामला आर्थिक अपराध विंग (EOW) को दिया गया. EOW ने फरवरी 2020 में प्रवीण राउत को गिरफ्तार कर लिया. बताया जाता है कि प्रवीण राउत, संजय राउत के करीबी हैं।  वह एचडीआईएल में सारंग वधावन और राकेश वधावन के साथ कंपनी में निदेशक थे. वधावन बंधु PMC बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी हैं. प्रवीण राउत को कोर्ट ने जमानत दे दी, लेकिन पीएमसी बैंक घोटाले के मामले में प्रवीण को ईडी ने गिरफ्तार कर लिया। वहीं इस मामले में संजय राउत ने सारे आरोपों को झूठा करार दिया है।  उन्होंने कहा, ‘मैं किसी घोटाले में शामिल नहीं हूं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 August 2022

पार्थ चटर्जी पर महिला ने फेंका जूता

जनता का धन लूटने पर जनता का गुस्सा  पश्चिम बंगाल के पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी की ईडी ने तो मुश्किलें बढ़ा ही रखी हैं।  वहीं जनता का भी गुस्सा अब फूटने लगा है।  एक महिला ने जांच कराने आये पार्थ पर  जूता फेंका। महिला का नाम शुभ्रा घरवी है। इस दौरान महिला ने कहा, 'मैं उसपर अपनी जूता फेंकने आई थी। उन्होंने गरीब लोगों से पैसे लिए हैं। मुझे खुशी होती अगर जूता उसके सिर पर लगा होता।' गौरतलब है कि पार्थ चटर्जी के साथ  उनकी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी को प्रवर्तन निदेशालय एसएससी शिक्षक भर्ती घोटाने में गिरफ्तार किया है। पार्थ चटर्जी की लगभग 135 करोड़ रुपये की संपत्ति का पता ईडी लगा चुकी है। इसमें अर्पिता मुखर्जी के घर से बरामद करीब 52 करोड़ की नकदी और चार करोड़ के जेवरात भी शामिल हैं। जांच एजेंसी को 18 प्रॉपर्टी भी मिली हैं। जिनकी कीमत 70 करोड़ रुपये से अधिक मानी जा रही है।  आपको बता दें ममता सरकार ने पार्थ चटर्जी से अपना पल्ला झाड़ लिया है।  वहीं ममता सरकार में अब कई पद मंत्री के खाली हो गए हैं।  जिनको भरने की कोशिश की जा रही है।  फिलहाल अभी ये मामला थमता नजर नहीं आ रहा है।  सम्प्पति के खुलासे किये जा रहे हैं।  पार्थ चटर्जी और अर्पिता चटर्जी के घरों से मिले अथाह धन ने कई सवाल ममता सरकार पर उठा दिए हैं।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 August 2022

ड्रैगन की धमकी का नहीं हुआ अमेरिका पर असर

  नैंसी पेलोसी कड़ी सुरक्षा के बीच पहुंची ताइवान  चीन की धमकी के बावजूद अमेरिकी संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी ने ताइवान यात्रा पूरी की। इस यात्रा के पीछे अमेरिका की शाख लगी हुई थी। करीब 17 घंटे ताइवान में रहने के बाद वे दक्षिण कोरिया के लिए रवाना हो गई हैं। जिसको लेकर चीन तिलमिला गया है। बताया जा रहा है की तिलमिलाया चीन ताइवान पर हमला भी कर सकता है। नैंसी पेलोसी  की यात्रा के पहले चीन ने अमेरिका को धमकी दी थी की अगर नैंसी पेलोसी ताइवान आईं तो ठीक नहीं होगा।  जब अमेरिका वन चीन पालिसी को मनाता है तो ताइवान की यात्रा क्यों की जा रही है। चीन राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन को धमकी दी थी कि अमेरिका अगर आग से खेलेगा तो जल जाएगा।  जिसके बाद अमेरिका ने जो नैंसी पेलोसी का रुट तय किया था उससे ऐसा लगा था की अमेरिका अब नैंसी पेलोसी को ताइवान नहीं भेजेगा।  लेकिन अमेरिका ने नैंसी पेलोसी को भारी सुरक्षा के बीच ताइवान भेजा।  इस दौरान समुद्र के साथ वायु सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए थे।  ड्रैगन नैंसी पेलोसी की इस यात्रा का विरोध करता रह गया।     इसको लेकर  सुबह से खबरें आ रही हैं कि चीन ने ताइवान को सब तरफ से घेर लिया है। इस दौरान ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन ने कहा, अमेरिकी स्पीकर पेलोसी वास्तव में ताइवान के सबसे अच्छे मित्रों में से एक हैं। ताइवान की यह यात्रा करने के लिए हम आपके आभारी हैं। अमेराका और ताइवान पुराने दोस्त हैं। चीन और अमेरिका की तनातनी पर अब अन्य देशों की प्रतिक्रियाएं भी आने लगी हैं। उत्तर कोरिया ने जहां चीन का समर्थन किया है। वहीं जापान ने तनाव के बीच चीन द्वारा किए जा रहे युद्धाभ्यास पर चिंता जाहिर की है। नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा पर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की पहली प्रतिक्रिया आ गई है। शी ने कहा है, हमने अपनी आंखें खुली रखी हैं। हम दुनिया को खुली आंखों से देख रहे हैं ताकि अमेरिका या उसके समर्थक देशों से आने वाली उकसावे का पता लग सके। वहीं चीनी सरकार की ओर से यह भी कहा गया कि अमेरिका लोकतंत्र की आड़ में उसकी संप्रभुता का उल्लंघन कर रहा है। 'अपराधियों' को सजा दी जाएगी। आपको बता दें पेलोसी जैसे ही ताइवान पहुंचीं, चीनी सेना ताइवान जलडमरूमध्य की ओर बढ़ गई। चीनी सुखोई-35 लड़ाकू विमानों ने भी ताइवान जलडमरूमध्य को पार किया। वहीं अमेरिका ने भी अपने यूएसएस रोनाल्ड रीगन और अन्य युद्धपोतों को इंडो-पैसिफिक क्षेत्र और फिलीपींस सागर में भी तैनात कर दिया है। लड़ाकू विमानों को भी अलर्ट पर रखा गया है। इसके साथ ही दुनियाभर में यह आशंका है कि अगर कोई एक्शन होता है तो यह तीसरे विश्व युद्ध की वजह बन सकता है। ताइवान की राजधानी ताइपे पहुंचने के बाद पेलोसी ने कहा कि अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल का दौरा ताइवान के जीवंत लोकतंत्र का समर्थन करने के लिए अमेरिका की अटूट प्रतिबद्धता का सम्मान है। उनसे पहले अमेरिकी संसद के कई प्रतिनिधिमंडल ताइवान का दौरा कर चुके हैं। वहीं  चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने अमेरिका पर धोखा देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि ताइवान के मुद्दे पर कुछ अमेरिकी नेता आग से खेल रहे हैं, जिसका परिणाम निश्चित रूप से अच्छा नहीं होगा। जानकारों की माने तो इस मामले से अब चीन और अमेरिका का व्यापार भी प्रभावित हो सकता है।  वहीं जो बाइडन ने अमेरिका के साथ अपनी गिरती हुई साख को भी बचा लिया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 August 2022

SC  में शिवसेना किसकी पर हुई सुनवाई

गुरुवार को भी होगी सुनवाई  महाराष्ट्र में सीएम पद की जंग तो समाप्त हो गई।  लेकिन शिवसेना किसकी अभी इसकी जंग जारी है। उद्धव और  एकनाथ शिंदे दोनों इसका अधिकार बता रहे हैं।  सुप्रीम कोर्ट में मुद्दे को लेकर अहम सुनवाई हुई। शिंदे गुट और उद्धव गुट के वकीलों की तमाम दलीलों के बीच सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया है कि वह इससे संंबंधित सभी मामलों की सुनवाई करेगा। सुप्रीम कोर्ट से दोनों पक्षों के मुद्दों की लिस्ट मांगी है।  उद्धव गुट की और से वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघली ने दलीले पेश की। सिब्बल का कहना है कि यदि एकनाथ शिंदे के साथ दो तिहाई विधायक हैं तो दल-बदल कानून के आर्टिकल 10 के मुताबिक, उन्हें या तो भाजपा में अपना विलय कर लेना था या नई पार्टी बनाना थी। एकनाथ शिंदे गुट का शिवसेना पर दावा करना कानूनन गलत है।  बागी विधायक अपने आचरण से पार्टी की सदस्यता खो चुके हैं। इन्होंने व्हीप का उल्लंघन किया है, पार्टी की बैठकों में हिस्सा नहीं लिया है। सुनवाई गुरुवार को भी जारी रहेगी।  एकनाथ शिंदे के साथ गए विधायक अयोग्य हैं। सरकार का गठन और अब तक लिए गए इस सरकार के सभी फैसले भी असंवैधानिक है। वहीं एकनाथ शिंदे गुट के वकील हरीशा साल्वे ने कहा कि उद्धव ठाकरे के पास बहुमत नहीं है।  केंद्रीय चुनाव आयोग के पास जाने को लेकर उन्होंने कहा  बीएमसी के चुनाव आने वाले हैं। वहां शिवसेना का चुनाव चिह्न कौन इस्तेमाल करेगा, यही सवाल है और यह फैसला चुनाव आयोग कर सकता है। एकनाथ शिंदे और उनके समर्थकों के विधायकों पर साल्वे ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि ये सभी विधायक अभी भी शिवसेना का हिस्सा है। सिर्फ फर्क यह है कि इन्हें अपने नेता की राय से सहमति नहीं थी, इसलिए अपना अलग गुट बना लिया। किसी भी लोकतांत्रिक पार्टी में ऐसा हो सकता है। अब यह सुनवाई गुरुवार को भी होनी है।  देखना होगा वकीलों की दलीलों पर शिवसेना किसको मिलती है।  सुप्रीम कोर्ट का इस मामले में काया फैसला होता है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 August 2022

पूर्व सीएम एनटी रामाराव की बेटी का मिला शव

  उमा माहेश्वरी अपने घर में मृत पाई गईं   आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एनटी रामाराव की बेटी उमा माहेश्वरी अपने घर में मृत पाई गईं। शुरुआती जांच में इसे आत्महत्या का मामला माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि वे तनाव और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझ रही थीं। उमा माहेश्वरी का शव हैदराबाद में स्थित उनके घर में पंखे से लटकता हुआ मिला। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची।  जहां शव को कब्जे में लेकर अस्पताल पहुंचाया गया । पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया गया है। पुलिस ने इस मामले में सीआरपीसी की धारा 174 के तहत केस दर्ज किया है।  पुलिस ने पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है।  पूरे मामले फिलहाल अभी इसे आत्महत्या माना जा रहा है। जांच के बाद पूरी स्थिति साफ़ हो पायेगी।     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 August 2022

पीएम मोदी ने तिरंगे के साथ बदली अपनी प्रोफ़ाइल

  देशवासियों से भी तिरंगा लगाने की अपील   देश में हर घर तिरंगा अभियान चलाया जा रहा है।  सभी देशवासी इसको लेकर काफी उत्साहित हैं।  वहीं इसपर विपक्ष हमलावर भी है।  वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस से पहले अपने सोशल मीडिया के प्रोफाइल पिक्चर को बदल कर तिरंगा लगा लिया है। जिसको देखते हुए बीजेपी सहित बड़ी संख्या में लोगों ने अपनी प्रोफाइल पर तिरंगा लगाना शुरू कर दिया है। गौरतलब है कि हाल ही में पीएम मोदी ने सभी देशवासियों से सोशल मीडिया प्रोफाइल फोटो को बदलकर उसकी जगह तिरंगा लगाने की अपील की थी। इसके साथ ही PM मोदी ने ट्विटर पर लिखा लिखा था कि हम आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, तो आज यानी दो अगस्त विशेष है, हमारा देश हर घर तिरंगा के लिए पूरी तरह से तैयार है, इस आंदोलन के माध्यम से हम सामूहिक रूप से अपने तिरंगा का सम्मान कर रहे हैं। मैंने अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल को तिरंगा से बदल दिया है। आप सभी देशवासी भी अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल को तिरंगा से बदलें।' इस अपील  बाद सभी बीजेपी समर्थकों ने अपनी प्रोफ़ाइल बदल दी है।  समर्थकों ने प्रोफ़ाइल में पीएम मोदी की अपील के बाद तिरंगा लगा दिया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 August 2022

ईडी का नेशनल हेराल्ड कार्यालय में छापा

  सुबह से ईडी की टीम पहुंची नेशनल हेराल्ड   प्रवर्तन निदेशालय नेशनल हेराल्ड के आधिकारिक परिसरों पर छापेमारी कर रहा है। ईडी के अधिकारी आज सुबह करीब 10 बजे दाखिल हुए। ईडी ने हेराल्ड हाउस में चौथी मंजिल पर छापेमारी की। यहीं पर नेशनल हेराल्ड का प्रकाशन कार्यालय स्थित है।   नेशनल हेराल्ड कथित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दिल्ली में कई जगहों पर ईडी की छापेमारी चल रही है। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी कांग्रेस के स्वामित्व वाले नेशनल हेराल्ड अखबार के दिल्ली स्थित कार्यालय समेत 12 जगहों पर छापेमारी कर रही है। बताया जा रहा है कि जांच एजेंसी कोलकाता में कुछ जगहों पर छापेमारी भी कर सकती है। ईडी ने नेशनल हेराल्ड अखबार से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से पिछले हफ्ते तीसरी बार तीन घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की। इससे पहले ईडी ने राहुल गाँधी से पूछताछ की थी।  पहले भी कांग्रेस नेता पवन बंसल और मल्लिकार्जुन खड़गे से पूछताछ कर चुकी है। मालूम हो कि इससे पहले वर्ष 2013 में बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की एक निजी आपराधिक शिकायत के आधार पर यंग इंडियन के खिलाफ यहां की एक निचली अदालत ने आयकर विभाग की जांच पर संज्ञान लिया था। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 August 2022

ममता सरकार में बढ़ सकते हैं मंत्री

  डैमेज कंट्रोल ,खाली मंत्री पद भरे जाएंगे  पश्चिम बंगाल में चार से पांच पद मंत्रियों के खाली पड़े हुए हैं। जिसको लेकर  मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जल्द ही कैबिनेट में बदलाव कर सकती है। ईडी के छापों के बाद पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी के कारण ममता सरकार पर कई सवाल खड़े किये गए। अब ममता सरकार डैमेज कंट्रोल करने में लगी हुई है। 5 से 6 नए चेहरों को कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है। जिन मंत्रियों को कैबिनेट से हटाया जाएगा, उन्हें संगठन में जिम्मेदारी दी जा सकती है। वहीं पश्चिम बंगाल के कूचबिहार में रविवार देर रात बड़े हादसे में 10 शिव भक्तों की करंट लगने से मौत हो गई।  जानकारी के मुताबिक कांवड़िए जिस वाहन में जा रहे थे, उसमें DJ लगा था। वाहन में जनरेटर भी रखा गया था।  वायर में शॉर्ट सर्किट होने से वाहन में करंट फैला और  पिकअप वाहन में सवार यात्री इसकी चपेट में आ गए। जहां 10 कांवड़ियों की मौत हो गई। हादसे में 19 लोग घायल हो गए हैं। घयलों का जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 August 2022

मंकीपॉक्स से केरल के मरीज की मौत

कोरोना ,स्वाइन फ़्लू के मामलों ने बढ़ाई चिंता  पूरी दुनिया में मंकीपॉक्स के रूप में एक नया संकट सामने आया है। मंकीपॉक्स से भारत में एक  मरीज की मौत हुई  है। मृतक केरल का रहना वाला है। बताया जा रहा कि मरीज को यूएई में मंकीपॉक्स हुआ था। वह 22 जुलाई को भारत लौटा था और 27 जुलाई कों यहां अस्पताल में भर्ती हुआ था।  अब उसकी मौत हो चुकी है। केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने बताया कि कुछ दिनों पहले संयुक्त अरब अमीरात से केरल आए युवक की शनिवार को त्रिशूर में मृत्यु हो गई। उन्हें मंकीपॉक्स पॉजिटिव पाया गया था। यह केरल में मंकीपॉक्स का चौथा मामला था। हालांकि अच्छी बात यह है कि केरल में ही सामने आए देश के पहले मंकीपॉक्स मरीज की तबीयत पूरी तरह ठीक है और उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। अन्य दो मरीज स्थिर हैं। दिल्ली में भी एक मंकीपॉक्स मरीज का इलाज जारी है।वहीं कोरोना को लेकर भी मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। भारत समेत पूरी दुनिया में कोरोना की  लहर कमजोर हुई है। इसके बावजूद  संक्रमण का खतरा अभी तक टला नहीं है। कोरोना वायरस में बदलाव हो रहे हैं। वैज्ञानिक हर रोज नए लक्षणों की खोज कर रहे हैं। हाल ही में एक इम्यूनोलॉजिस्ट ने चेतावनी दी है कि कोविड-19 का नया वैरिएंट अलग लक्षण दिखा रहा है। वैज्ञानिक की  माने तो नया स्ट्रेन ओमीक्रॉन  BA.5, एक अत्यधिक संक्रामक सबवेरिएंट है। और यह चिंता का विषय है क्योंकि यह दुनिया भर में संक्रमण की एक नई लहर का कारण बन सकता है। इसका सबसे अलग लक्षण है रात में पसीना आना। वहीं अब एक बार फिर केरल के वायनाड जिले और पड़ोसी कन्नूर में पहली बार अफ्रीकी स्वाइन फ्लू के मामले सामने आए हैं। वायनाड में जुलाई के अंतिम सप्ताह में पहला मामला सामने आया था, जिसके बाद दो खेतों में 300 से अधिक सूअरों को मार दिया गया था। 1 अगस्त को भी वायनाड में ताजा मामले सामने आए हैं।  जिसने देश की चिंताएं बढ़ा दी हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 August 2022

रोज सुबह बजने वाला भोंपू बंद हो गया-शिंदे

  संजय राउत की गिरफ़्तारी पर सीएम शिंदे का बयान    पत्रा चाल घोटाले से जुड़े मनी लांड्रिंग केस में गिरफ्तार शिवसेना नेता और राज्यसभा सदस्य संजय राउत को  कोर्ट में पेश किया जाएगा। यह 1,034 करोड़ रुपयों का घोटाला है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रविवार देर रात संजय राउत को गिरफ्तार किया था। जिसको लेकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने तंस कसा है। शिंदे ने कहा बकौल राउत, भोंपू तो अंदर गया। रोज सुबह बजने वाला भोंपू बंद हो गया। जो जैसा करेगा, वैसे भरेगा। गौरतलब है कि  ईडी की यह कार्रवाई ऐसे समय हुई है जब सोमवार को सुप्रीम कोर्ट शिवसेना के बागी विधायकों की अयोग्यता से जुड़े मामले पर सुनवाई करने वाला है। अधिकारियों के मुताबिक वह जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे।  गिरफ्तारी से पहले दिन में राउत ने कहा था कि उनका किसी घोटाले से कोई लेना-देना नहीं है। मैं मर जाऊंगा, लेकिन शिवसेना नहीं छोड़ूंगा।संजय राउत से ईडी ने एक जुलाई को  पत्रा चाल घोटाले से संबंधित मनी लांड्रिंग के मामले में नौ घंटे पूछताछ की थी। उन्हें उसके बाद भी कई बार पूछताछ के लिए ईडी कार्यालय पहुंचने का समन दिया गया था, लेकिन वह नहीं पहुंचे। रविवार सुबह सात बजे ईडी की टीम राउत के दादर एवं भांडुप स्थित आवासों पर पहुंच गई। करीब नौ घंटे चली छानबीन और पूछताछ के बाद ईडी अधिकारियों ने उनसे दक्षिण मुंबई स्थित ईडी कार्यालय चलने को कहा। राउत द्वारा इन्कार करने पर ईडी शाम करीब चार बजे उन्हें हिरासत में लेकर अपने कार्यालय ले गई, जहां उनसे देर रात तक पूछताछ की गई। राउत ने पत्रकारों से कहा था कि वह ईडी के साथ पूरा सहयोग कर रहे हैं।  लेकिन शिवसेना को खत्म करने के लिए चली जा रहीं राजनीतिक चालों के आगे झुकेंगे नहीं। ईडी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, राउत के घर से 11.50 लाख रुपये नकद मिले हैं। राउत ने ईडी को बताया कि इसमें से 10 लाख रुपये पार्टी के हैं, जबकि डेढ़ लाख रुपये उन्होंने घर की मरम्मत के लिए रखे थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 August 2022

स्मृति ईरानी के खिलाफ अधीर का पत्र

   स्मृति ईरानी राष्ट्रपति से माफ़ी मांगे  राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का अपमान करने पर कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने  लिखित माफी मांग ली है।  लेकिन यह मामला अभी थमता नजर नहीं आ रहा है।  अब अधीर रंजन चौधरी ने स्मृति ईरानी पर निशाना साधा है।  उन्होंने कहा स्मृति ईरानी ने राष्ट्रपति का नाम सीधे तौर पर बिना राष्ट्रपति बोले लिया।  जो की सही नहीं है।  उन्होंने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ नया मोर्चा खोल दिया है। अधीर रंजन ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर मांग की है कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को देश से माफी मांगने चाहिए क्योंकि उन्होंने संसद में यह मुद्दा उठाते समय द्रौपदी मुर्मू के नाम के आगे 'राष्ट्रपति' शब्द का इस्तेमाल नहीं किया। अधीर रंजन की मांग है कि स्मृति ईरानी को 'बिना शर्त माफी' मांगने के लिए कहा जाए। बता दें, अधीर रंजन चौधरी ने मीडिया से बात करते समय महामहिम द्रौपदी मुर्मू के लिए राष्ट्रपत्नी शब्द का प्रयोग किया था। वहीं कांग्रेस नेता शशि थरूर ने 'राष्ट्रपत्नी' मामले में कांग्रेस के लोकसभा सांसद अधीर रंजन चौधरी का बचाव किया है। उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि हमें इस मामले को अब छोड़ देना चाहिए। यह कोई मुद्दा नहीं है, इसका भ्रष्टाचार या सरकार की लापरवाही से कोई लेना-देना नहीं है। एक आदमी, जिसकी हिंदी शायद मेरी तरह है, ने गलती की। वहीं कांग्रेस महंगाई, बेरोजगारी, अग्निपथ योजना और आवश्यक वस्तुओं पर जीएसटी के विरोध में पांच अगस्त को राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन करेगी। कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने पार्टी की राज्य और जिला इकाइयों को लिखे पत्र में कहा है कि पहले से ही बढ़ी महंगाई के बीच आवश्यक उपभोक्ता वस्तुओं, खासकर दाल, खाद्य तेल, एलपीजी, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि से आम आदमी पर असहनीय बोझ बढ़ गया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 July 2022

झारखंड में कांग्रेसी विधायकों के पास मिला 48 लाख कैश

   कमेटी अध्यक्ष ने किया तीनो विधायकों को सस्पेंड    पश्चिम बंगाल में 3 विधायकों के पास लाखों में कैश मिला है। तीनों कांग्रेसी विधायकों को हिरासत में ले लिया गया है और पूछताछ ज़ारी है। हावड़ा सिटी पुलिस के डीसीपी साउथ प्रतिक्षा झाखरिया ने बताया की , उन्हें जानकारी मिली थी की  पंचला थाना क्षेत्र के रानीहाटी में NH-16 से निकल रही काली फॉर्च्यूनर में लाखों में केश ले जाया जा रहा है। पुलिस ने नाकाबंदी कर फॉर्च्यूनर को रोका तो उसमे से 48 लाख केश बरामद हुआ है। जिसे गिनने के लिए मशीन मंगवानी पड़ी। तीनों विधायकों में से किसी के पास कोई साफ जवाब नहीं की केश कहाँ का है। देर रात तक पूछताछ के बाद, अंसारी ने इसे कलेक्शन का पैसा बताया है। जिसका साफ़ हिसाब नहीं है। बताया जा रहा है की ,फॉर्च्यूनर गाड़ी बोकारो , किसी नईम अंसारी के नाम पर है, लेकिन उसके आगे विधायक जामताड़ा का बोर्ड है। फॉर्च्यूनर गाड़ी गुवाहाटी से बंगाल आ रही थी। फॉर्च्यूनर में  राजेश कच्छप, नमन विक्सेल कोंगारी और इरफान अंसारी मौजूद थे। झारखंड कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने कहा की  तीनों कांग्रेसी विधायकों को सस्पेंड कर दिया गया है। बताया जा रहा है , की केश का कुछ दिन पहले ही झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के एक पूर्व अध्यक्ष ने असम के एक कद्दावर बीजेपी नेता से मुलाकात की थी जो दिल्ली के फाइव स्टार होटल में की गयी थी। सूत्रों के अनुसार मीटिंग के बाद से कांग्रेस विधायकों ने धीरे से अपनी बिसात बिछाई जिसमे कांग्रेस के पांच विधायक शामिल थे।  इनमे से तीन कोलकाता पुलिस की गिरफ्त में है। केश रिकवरी के बाद झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी राजेश ठाकुर ने कहा की ये सरकार को अस्थिर करने की कोशिश की जा रही है। आगे आने वाले समय में चीज़े स्पष्ट हो जाएंगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 July 2022

संजय राउत के घर ईडी का छापा

  पात्रा चॉल जमीन मामले में छापामार कार्रवाई   महाराष्ट्र में शिवसेना सांसद संजय राउत की मुश्किलें और बढ़ गई है।  पात्रा चॉल जमीन मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने छापामार कार्रवाई की है।   तीन बार समन जारी होने के बाद भी जब संजय राउत पेश नहीं हुए तो ईडी के अधिकारी एक्शन में आ गए। ED ने संजय राउत के निवास पर छापा मारा है। ईडी की एक टीम रविवार सुबह संजय राउत के मुंबई स्थित निवास पर पहुंची। संजय राउत के साथ ही उनके भाई भी घर पर मौजूद हैं।  इस बीच, संजय राउत के समर्थक उनके निवास के बाहर लोग ED के विरोध में नारे लगा रहे हैं।बताया जा रहा है कि  पात्रा चॉल जमीन मामले  ईडी की टीमों ने एक साथ तीन स्थानों पर छापा मारा है। संजय राउत के निवास के अलावा मुंबई में एक अन्य स्थान पर भी कार्रवाई जारी है।अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि जब ईडी के अधिकारी और पुलिसकर्मी उनके निवास पर पहुंचे तो वहां सुरक्षाकर्मी भी नहीं थे। कार्रवाई के बाद राउत ने ट्वीट किया और लिखा, 'शिवसेना और महाराष्ट्र लड़ते रहेंगे। यह झूठी कार्रवाई है। झूठी सबूत जुटाए जा रहे हैं। मैं शिवसेना नहीं छोड़ूंगा। मर भी जाऊं तो सरेंडर नहीं करूंगा। संघर्ष जारी रहेगा।' अब इसको लेकर सियासत गर्म हो गई है।  एक तरफ ईडी का विरोध तो दूसरी ओर  इसके समर्थन में भी लोग आ गए हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 July 2022

शिक्षक भर्ती घोटाले में कई राज खुले

  अर्पिता के फ़्लैट से मिलीं आपत्तिजनक चीजें   पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले में कई राज खुलते नजर आ रहे हैं।  वहीं ये मामला अभी थमता नजर नहीं आ रहा है। ममता सरकार मंत्री रहे पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता चटर्जी को लेकर खुलासे हुए हैं।  मंत्री रहते पार्थ चटर्जी ने अपनी पूरी काली कमाई को अर्पिता के जरिये  ही ठिकाने लगाया। वहीं ED ने  अर्पिता मुखर्जी को  मेडिकल चेकअप के लिए लाया गया था। बताया जा रहा है कि अर्पिता फूटफूट कर रोने लगी। वहीं अभी भी  बंगले से चार लग्जरी कारें गायब बताई जा रही हैं। आशंका है कि इन कारों के जरिए नोटों को ठिकाने लगाने की कोशिश की जा रही है। अर्पिता मुखर्जी के  एक फ्लैट से जांच अधिकारियों को आपत्तिजनक चीजें मिलने की खबरे भी आ रही हैं। अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से कई सेक्स टॉय बरामद हुए हैं। चांदी का एक कटोरा भी मिला। चांदी के बर्तन ज्यादा महंगे नहीं होते, लेकिन इस चांदी के कटोरे का एक और सामाजिक पक्ष है। बंगालियों में नवविवाहित जोड़े को चांदी का कटोरा दिया जाता है। यह प्राचीन परंपरा है, जिसमें दीप प्रज्ज्वलित कर आने वाली पीढ़ी को दुनिया के सामने लाने की कामना की गई है। इस बात को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है कि अर्पिता के फ्लैट में ये सब चीजें क्यों आईं। उधर ममता सरकार के मंत्री के पास से इतनी रकम मिलने के बाद अब सरकार भी निशाने पर है।  भ्र्श्ताचार को लेकर ममता सरकार पर सवाल उठाये जा रहे हैं।  लेकिन ममता बैनेर्जी ने अब तक इस मामले में कोई एक्शन नहीं लिया है।  हालांकिआर्टि ने इस मामले से अपना पल्ला झाड़ा हुआ है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 July 2022

भारत में बढ़ रहे हैं कोरोना संक्रमितों के आकड़े

  हिमांचल में मिला मंकीपॉक्स का संदिग्ध  भारत में मंकीपॉक्स के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं। अब हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में नया संदिग्ध केस मिलने से सनसनी फैल गई है। स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक मरीज की विदेश की ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है, लेकिन लक्षण पाए जाने पर मरीज के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। फिलहाल स्वास्थ्य अधिकारियों ने मरीज को आइसोलेशन में रखा है और जिले इस तरह के मामलों पर निगरानी रखी जा रही है। भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड के 20,408 नए मामले सामने आए और 20,958 मरीज ठीक हुए। पिछले 24 घंटे में देश में कोविड से 54 लोगों की मृत्यु हुई। देश में फिलहाल कोरोना संक्रमण के सक्रिय मामले 1,43,384 हैं, वही दैनिक पॉजिटिविटी दर 5.05 फीसदी है। केरल में भी कोरोना के मरीज एक बार फिर से बढ़ रहे हैं। पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटों में 1,284 नए मामले सामने आए हैं, जिसके चलते सक्रिय मामलों की संख्या 18,003 पर पहुंच गई है। वहीं दिल्ली में भी 1,245 नए मामले मिले हैं।  यानी 30 जुलाई 2022 की सुबह आठ बजे केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान देश में 20,408 नए मामले सामने आए। इससे पहले 29 जुलाई को 20,409 नए मामले सामने आए थे, जबकि 28 जुलाई को 20,557 नए मामले मिले थे, जबकि 01 जुलाई को 17,070 नए मामले सामने आए थे। पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा 18,003 मामले सक्रिय हैं, केरल में 16,015, तमिलनाडु में 13,510, महाराष्ट्र में 13,186, कर्नाटक में 9,866 और पंजाब में 8,180 मामले अभी भी सक्रिय हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 July 2022

राज्यपाल के बयान पर संजय राऊत का निशाना

  राउत ने बयान को मराठी अस्मिता से जोड़ा    महाराष्ट्र में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने एक बयान दिया जिसमे उन्होंने कहा कि मुंबई और ठाणे से गुजरातियों और राजस्थानियों को निकाल दिया जाए तो यहां पैसे बचेंगे ही नहीं। मुंबई आर्थिक राजधानी कहलाएगी ही नहीं। इसको लेककर अब सियासत शुरू हो गई है। बयान पर पलटवार करते हुए शिवसेना नेता संजय राउत ने इसे मराठी अस्मिता से जोड़ दिया है। उन्होंने  सवाल किया है कि यहां महाराष्ट्र के लोगों को भिखारी कहा जा रहा है। साथ ही राउत ने एकनाथ शिंदे से सवाल पूछा कि क्या आपका महाराष्ट्र अलग है।  अगर आपके अंदर जरा भी स्वाभिमान है तो पहले राज्यपाल से इस्तीफा मांगो। राउत ने  केंद्र सरकार को भी निशाने पर लेते हुए कहा कि दिल्ली के आगे कितना झुकोगे। अब इस बयान के सियासत में क्या मायने हैं और इसका मुंबई की जनता पर कितना असर होगा ये तो समय की बात है।  फिलहाल कुर्सी जाने के बाद संजय राऊत किसी भी राजनैतिक मुद्दे को मुद्दा बनाने से खोना नहीं चाहते

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 July 2022

ट्रेनर फाइटर जेट मिग-21 क्रैश

  लोगों को बचाने पायलटों ने लिया जोखिम ,दोनों पायलट शहीद  राजस्थान के बाड़मेर के उत्तरलाई एयरबेस से उड़ा ट्रेनर फाइटर जेट मिग-21 क्रैश हो गया। बायसन ने उड़ान भरी ही थी कि कुछ ही देर में उसमें आग लग गई।  जेट उड़ा रहे विंग कमांडर मोहित राणा और फ्लाइट लेफ्टिनेंट अद्वितीय बल  ढाई हजार की आबादी वाले गांव भीमड़ा को बचाने के लिए अपनी जान गवां दी। जब फाइटर जेट में आग लगी तो प्लेन एयरबेस से 40 किमी दूर भीमड़ा गांव के ऊपर था। दोनों वायु सैनिकों ने अद्वितीय बल दिखाते हुए अपनी जान दावं पर लगा दी और गांव से करीब 2 किलोमीटर दूर ऐसे सुनसान एरिये में ले गए।  प्लेन एक बड़े धमाके के साथ रेत के टीले पर क्रैश हो गया। इस हादसे में हिमाचल प्रदेश के मंडी के रहने वाले विंग कमांडर मोहित राणा और जम्मू के रहने वाले फ्लाइट लेफ्टीनेंट अद्वितीय बल शहीद हो गए। बताया जा रहा है कि रूटीन उड़ान पर निकले फाइटर प्लेन में हवा में ही आग लग गई थी। भारतीय वायुसेना के मुताबिक, तकनीकी खराबी या किसी अन्य कारण से प्लेन में हवा में ही आग लग गई थी। दोनों पायलट्स को इसका अंदेशा भी हो गया था। ऐसे में सूझ-बूझ दिखाते हुए दोनों विमान को गांव से दूर ले गए और रेत के टीलों में वह क्रैश हो गया। 3 किलोमीटर तक धमाका सुनाई दिया, जहां विमान गिरा वहां आसपास के रेत के टीलों में भी आग फैल गई।हादसे के 45 मिनट बाद ही पुलिस और सेना के अधिकारी मौके पर पहुंचे।  आधा किलोमीटर एरिया को सेना ने अपने कब्जे में लिया और घटना की जांच-पड़ताल शुरू कर दी। वहीं स्थानीय ग्रामीणों की माने तो इस गांव में करीब 2500 के आसपास आबादी है। और जहां पर मिग क्रैश हुआ वहां पर भी कई ढाणियां थीं। इन्हें बचाते हुए पायलट्स विमान को रेत के टीले की तरफ ले गए थे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 July 2022

10 दिन में कर्नाटक में 3 हत्या

  यूपी मॉडल की उठी मांग    कर्नाटक में लगातार हत्या के मामले बढ़ने लगे हैं।  कर्नाटक में 10 दिन में ये तीसरी हत्या हुई है।एक बार फिर मंगलुरु में गुरुवार शाम कुछ नकाबपोश हमलावरों ने एक युवक को बेरहमी से पीटा।  फिर चाकू से हमला कर दिया। हमले में घायल मो. फाजिल की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई।  26 जुलाई को दक्षिण कन्नड़ जिले में भाजयुमो नेता की हत्या की गई थी। दक्षिण कन्नड़ में ही 19 जुलाई को मो. मसूद पर 8 लोगों ने हमला किया था। उनकी भी इलाज के दौरान मौत हो गई। इस तरह हो रही हत्याओं ने शासन , प्रशासन और कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान कहड़ा कर दिया है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि हम इन मामलों में सख्त एक्शन लेंगे। अब आप इसे यूपी मॉडल कहिए या फिर कर्नाटक मॉडल।हत्या को लेकर  पुलिस ने बताया कि सुरथकल इलाके में फाजिल की हत्या तब हुई, जब वो कपड़े की दुकान के बाहर अपने परिचित से बात कर रहे थे। चार लोग कार से आए और उस पर हमला किया। चारों लोगों ने चेहरे को ढंक रखा था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, फाजिल पुलिस का इंफॉर्मर था। इस मामले में पुलिस ने 12 संदिग्धों को पकड़ा है। कृष्णापुर, कुलाई, सूरतकल में 144 लागू की गई है। वहीं भाजपा नेताओं की हत्या से अब भाजपा के लोग न खुश हैं। हत्या के बाद कर्नाटक में कई कार्यकर्ता और विधायकों ने मांग की थी कि योगी मॉडल लागू किया जाए। जिस तरह यूपी में सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने वालों के घर बुलडोजर से गिराए जा रहे हैं, वैसा ही एक्शन कर्नाटक में भी लिया जाए। आपको बता दें प्रवीण की हत्या के बाद भाजपा युवा मोर्चा के पदाधिकारियों के इस्तीफे जारी हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 July 2022

कांग्रेस सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे का राष्ट्रपति मसले पर बयान

  बीजेपी जानबूझकर मुद्दा बढ़ा रही , महंगाई ,बेरोजगारी पर चर्चा हो  राष्ट्रपति को राष्ट्रपत्नी कहने के ,मामला थमता नजर नहीं आ रहा है। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के बारे में अपमानजनक टिप्पणी करना भारी पड़ रहा है । अधीर रंजन चौधरी की टिप्पणी को राष्ट्रपति का अपमान करार देते हुए भाजपा ने कांग्रेस और उसकी अध्यक्ष सोनिया गांधी से माफी मांगने को कहा है। वहीं इस मामले में अब कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि अधीर रंजन ने माफ़ी मांग ली है।  अब सोनिया गाँधी माफ़ी क्यों मांगे।  सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई थी । अधीर रंजन चौधरी ने गलती स्वीकार की और स्पष्ट किया कि उनकी जीभ फिसल गई थी।  कांग्रेस सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि अधीर रंजन चौधरी ने अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगी है। उसके बाद भी बीजेपी सोनिया गांधी के खिलाफ नारे लगाते हुए माफी की मांग कर रही है। वे जानबूझकर ऐसा कर रहे हैं ताकि उन्हें महंगाई जैसे मुद्दों पर चर्चा न करनी पड़े। आपको बता दें अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार को राष्ट्रपति के लिए दो बार अपमानजनक शब्द का इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान के सभी लोगों के लिए एक राष्ट्रीय पत्नी है, तो हमारी क्यों नहीं। कांग्रेस सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि अधीर रंजन चौधरी ने अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगी है। उसके बाद भी बीजेपी सोनिया गांधी के खिलाफ नारे लगाते हुए माफी की मांग कर रही है। वे जानबूझकर ऐसा कर रहे हैं ताकि उन्हें महंगाई जैसे मुद्दों पर चर्चा न करनी पड़े। बहरहाल बीजेपी इस मुद्दे को माफ़ी के बाद भी छोड़ने को तैयार नहीं है।  संसद में विपक्ष की मांग है कि महंगाई , बेरोजगारी पर बात हो बहस हो।  अब देखना यह होगा की यह मदद अभी कितने दिन और संसद में गूंजेगा।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 July 2022

अर्पिता मुखर्जी के दूसरे फ्लैट पर छापा

   28.90 करोड़ रुपए कैश , 5 किलो सोना मिला पश्चिम बंगाल में टीचर भर्ती घोटाले में ममता सरकार की मुसीबत कम होती दिख नहीं रही है। प्रवर्तन निदेशालय ने ममता सरकार में मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के दूसरे फ्लैट पर छापा मारा। फ़्लैट से  ईडी को करीब 28.90 करोड़ रुपए कैश और 5 किलो सोना मिला है। यह रकम फ़्लैट के टॉयलेट में छुपाकर रखी गई थी।  ईडी के अधिकारियों ने  नोट गिनने की 3 मशीन लगा रखी थी।आपको बता दें कि करीब पांच दिन पहले ही ED को अर्पिता के फ्लैट से 21 करोड़ कैश और तमाम कीमती सामान मिले थे, इसके बाद से अर्पिता से लगातार सख्त पूछताछ जारी है। अर्पिता को 23 जुलाई को गिरफ्तार कर लिया था। अर्पिता मुखर्जी के आवास से अब तक कुल 40 करोड़ रुपए बरामद हुए हैं। ED के अधिकारी पश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के बेलघरिया आवास से  29 करोड़ रुपये  10 ट्रंक भरने के बाद निकले। अर्पिता मुखर्जी के आवास से अब तक कुल 40 करोड़ रुपए बरामद हुए हैं। टीचर भर्ती घोटाले में ED ने कोलकाता के आसपास अर्पिता मुखर्जी के 3 ठिकानों पर छापेमारी की थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 July 2022

पीएम मोदी ने किया साबर डेयरी की परियोजनाओं का उद्घाटन

  पीएम मोदी गुजरात के दौरे पर पहुंचे  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात दौर पर पहुंचे।  गुजरात दौरे उन्होंने गुुरुवार को साबर डेयरी की कई परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। इस दौरान  पीएम मोदी ने कहा कि आज साबर डेयरी का विस्तार हुआ है। सैकड़ों करोड़ रुपए के नए प्रोजेक्ट यहां लग रहे हैं। आधुनिक टेक्नॉलॉजी से लैस मिल्क पाउडर प्लांट और ए-सेप्टिक पैकिंग सेक्शन में एक और लाइन जुड़ने से साबर डेयरी की क्षमता और अधिक बढ़ जाएगी। 2014 तक देश में 40 करोड़ लीटर से भी कम इथेनॉल की ब्लेंडिंग होती थी। आज ये करीब 400 करोड़ लीटर तक पहुंच रहा है। हमारी सरकार ने बीते 2 वर्षों में विशेष अभियान चलाकर 3 करोड़ से अधिक किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड भी दिए हैं। देश में आज 10,00 किसान उत्पादक संघ के निर्माण का काम तेज़ी से चल रहा है। इन FPOs के माध्यम से छोटे किसान फूड प्रोसेसिंग से जुड़ी, एक्सपोर्ट से जुड़ी वैल्यू और सप्लाई चेन से सीधे जुड़ पाएंगे। हमारी सरकार ने 15 नवंबर को भगवान बिरसा मुंडा जी के जन्म दिवस को जनजातीय गौरव दिवस घोषित किया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 July 2022

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के बयान भड़की बीजेपी

  अधीर रंजन ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर दिया विवादित बयान  कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर दिए गए आपत्तिजनक बयान के बाद अब सियासत शुरू हो गई है ।  अधीर रंजन चौधरी के बयान पर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कांग्रेस पार्टी हर तरह से एक आदिवासी को कमजोर करने की कोशिश करती रही है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि वह पहले ही माफी मांग चुके हैं।  वह देश को गुमराह कर रही हैं।  वहीं दूसरी ओर अधीर रंजन चौधरी का दावा है कि माफी मांगने की कोई जरूरत नहीं है।इस मुद्दे पर संसद में तीखी नोक  भी हुई। सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच जमकर बहस हुई। जब भाजपा सांसद सोनिया गांधी के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे थे। इस दौरान कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच नोकझोंक भी देखने को मिली। तीन मिनट तक चली इस बहस के दौरान सोनिया गांधी ने स्मृति ईरानी से 'कहा डोंट टॉक टू मी। आज भाजपा सांसदों ने कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर की गई टिप्पणी के विरोध में संसद में प्रदर्शन किया। वहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अधीर रंजन चौधरी के बयानों को लेकर कांग्रेस पार्टी पर भी निशाना साधा है। स्मृति ईरानी ने कहा कि जब से द्रौपदी मुर्मू का नाम राष्ट्रपति के उम्मीदवार के रूप में घोषित हुआ, तब से ही द्रौपदी मुर्मू कांग्रेस पार्टी की घृणा और उपहास का शिकार बनीं। कांग्रेस पार्टी ने उन्हें कठपुतली कहा। केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा ये राष्ट्रपति का बहुत बड़ा अपमान है।  ये राष्ट्र का अपमान है। सोनिया गांधी और अधीर रंजन चौधरी को माफी मांगनी चाहिए।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 July 2022

सांसद संजय सिंह हंगामे के बाद हुए निलंबित

  चेयरमैन के आसन पर पेपर फेंकने का आरोप   लोकसभा और राज्यसभा में हंगामे के बीच अब तक कई सांसदों को सदन की कार्यवाही निलंबित कर दिया गया है। अब तक इस सत्र में हंगामा करने वाले राज्यसभा में 20 और लोकसभा में 4 सांसदों पर कार्रवाई की जा चुकी है।वहीं आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह को बुधवार को राज्यसभा से सस्पेंड कर दिया गया। संजय सिंह  पर सदन में नारेबाजी करते हुए चेयरमैन के आसन पर पेपर फेंकने का आरोप है। बुधवार को राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह ने संजय सिंह को इस हफ्ते की बची हुई कार्यवाही के लिए निलंबित कर दिया ।  राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह ने निलंबन की घोषणा करते हुए कहा कि मंगलवार को उन्होंने सदन की कार्यवाही के दौरान कुर्सी पर कागज फेंका। सिंह का निलंबन संसदीय मामलों के कनिष्ठ मंत्री वी. मुरलीधरन द्वारा "कदाचार" और "सदन और पीठ के अधिकार की पूर्ण अवहेलना" के लिए एक प्रस्ताव के बाद किया गया था। यह प्रस्ताव ध्वनिमत से किया गया। आपको बता दें  अब तक 20 राज्यसभा सांसद निलंबित हो चुके हैं। इससे पहले मंगलवार को 19 सांसदों को एक हफ्ते के लिए सस्पेंड किया गया। मंगलवार को विपक्ष ने GST और महंगाई पर हंगामा किया था। भारी हंगामे के बीच स्पीकर ओम बिड़ला ने कांग्रेस के 4 सदस्‍यों को निलंबित कर दिया था। ज्योतिमणी, माणिकम टैगोर, टीएन प्रथापन और राम्या हरिदास को पूरे सत्र के लिए निलंबित किया गया है। दरअसल, लोकसभा में विपक्ष ने महंगाई और GST पर जमकर हंगामा किया। स्पीकर ओम बिड़ला ने विपक्षी सदस्यों से कार्यवाही चलने देने की अपील की, लेकिन उन्होंने GST के खिलाफ नारेबाजी और तख्तियां दिखाना जारी रखा। जिसपर कार्यवाही नहींबढ़ने देने को लेकर इन सांसदों को निलंबित किया गया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 July 2022

फ्री की राजनीति को सुप्रीम कोर्ट ने बताया गंभीर

  SC ने कहा केंद्र फ्री  रेवड़ी कल्चर' पर काबू करे  फ्री की राजनीति पर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त टिप्पणी की है। सुप्रीम कोर्ट ने मुफ्तखोरी को सही नहीं माना है। सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव से पहले मुफ्त योजनाओं के वादे को गंभीर मुद्दा बताया है। अब इस मामले में 3 अगस्त को सुनवाई होगी। इसके लिए सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने केंद्र से कहा है कि इसका समाधान निकाला जाए।  सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव से पहले 'मुफ्तखोरी' पर सख्त होकर कहा कि केंद्र फ्री  रेवड़ी कल्चर' पर काबू करे।  CJI एनवी रमना, जस्टिस कृष्ण मुरारी और हिमा कोहली की बेंच ने केंद्र से कहा है कि इस समस्या का हल निकालने के लिए वित्त आयोग की सलाह का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। सुनवाई के दौरान मुख्य न्यायाधीश ने वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल से भी इस मामले में राय मांगी।  CJI ने कहा, मिस्टर सिब्बल यहां मौजूद हैं और वह एक वरिष्ठ संसद सदस्य भी हैं। आपका इस मामले में क्या विचार है? सिब्बल ने कहा, यह बहुत ही गंभीर मामला है लेकिन राजनीति से इसे नियंत्रित करना बहुत मुश्किल है। जब वित्त आयोग राज्यों को फंड आवंटित करता है तो उसे राज्य पर कर्ज और मुफ्त योजनाओं पर विचार करना चाहिए।  सिब्बल ने कहा, वित्त आयोग ही इस समस्या से निपट सकता है। हम आयोग को इस मामले से निपटने के लिए कह सकते हैं। केंद्र से उम्मीद नहीं की जा सकती कि वह इस मामले में कोई निर्देश देगा।  इसके बाद बेंच ने अडिशनल सॉलिसिटर जनरल केएम नटराज से कहा वह सिब्बल की सलाह पर आयोग के विचारों का पता करें।  चुनाव आयोग की तरफ से पेश हुए वकील अमित शर्मा ने कहा कि पहले के फैसले में कहा गया था कि केंद्र सरकार इस मामले से निपटने के लिए कानून बनाए। वहीं नटराज ने कहा कि यह चुनाव आयोग पर निर्भर करता है। सीजेआई रमना ने नटराज से कहा, 'आप सीधा -सीधा यह क्यों नहीं कहते कि सरकार का इससे कोई लेना देना नहीं है और जो कुछ करना है चुनाव आयोग करे। मैं पूछता हूं कि केंद्र सरकार मुद्दे को गंभीर मानती है या नहीं? आप पहले कदम उठाइए उसके बाद हम फैसला करेंगे कि इस तरह के वादे आगे होंगे या नहीं। आखिर केंद्र कदम उठाने से परहेज क्यों कर रहा है।' मामले में याचिकाकर्ता अश्विनी उपाध्याय ने कहा कि यह गंभीर मुद्दा है और पोल पैनल को राज्यों और राष्ट्रीय स्तर की पार्टियों को मुफ्त के वादे करने से रोकना चाहिए। उपाध्याय ने कहा कि राज्यों पर लाखों करोड़ का कर्ज है। हम श्रीलंका के रास्ते पर जा रहे हैं। आपको बता दें देश में कई राज्य कर्ज से डूबे हुए हैं लेकिन चुनाव आते ही मुफ्त की योजनाओं का लालच देकर जनता भ्रमित करते हैं।  हाल ही में पंजाब , उत्तराखंड , उत्तरप्रदेश में चुनाव हुए।  जिसमे सबसे ज्यादा कर्ज में डूबा है पंजाब।  और यहां की नई सरकार आम आदमी पार्टी की सरकार ने कई फ्री की योजनाओं जा जाल बिछाया है।  फ्री में पैसा , फ्री में बिजली , फ्री में ऐसी कई योजनाएं हैं जिससे वोट बैंक अपनी ओर किया गया। यही हालात उत्तराखंड , मध्यप्रदेश , पंजाब , राजस्थान , और कई प्रदेशों का है जहां कर्ज लेकर फ्री की योजनाओं को अंजाम दिया जा रहा है। ये टैक्स पयेर्स के लिए कहाँ तक जायज है यह सोचने का विषय है। दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने तो फ्री की योजनाओं का पुलिंदा खींच दिया है।  उनका तर्क रहता है कि वो भ्रष्टाचार को ख़त्म कर फ्री की योजनाएं ला रहे हैं।  फ्री देने की जगह विकास की योजनाओं पर बल दिया जा सकता है।  यही केजरीवाल की आम आदमी पार्टी फ्री की योजनों के लिए केंद्र से पैसे की मांग कर रही है। एक तो मुफ्तखोरी की आदत जनता को डाली जा रही है। वहीं डर है कि कहीं ये फ्री वाली राजनीति देश को श्रीलंका , नेपाल , पाकिस्तान की तरह न हो जाय। हालाँकि जानकारों का मानना है कि भारत श्रीलंका , नेपाल की तरह कुछ व्यवसाय पर डिपेंडेंट नहीं है।  इसलिए भारत की हालत वैसी नहीं होगी।  लेकिन फ्री की राजनीति देश के विकास के लिए घातक है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 July 2022

ED जैसी जांच एजेंसियों पर सवाल पर सुप्रीम कोर्ट का झटका

  SC ने जांच एजेंसी को बताया सही ,अधिकार गिनाए ,याचिका ख़ारिज    जांच एजेंसियों को लेकर दायर याचिका पर सवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने तल्ख़ टिप्पणी की है। सुप्रीम कोर्ट ने ED के खिलाफ दायर याचिका ख़ारिज कर दी है। सुप्रीम कोर्ट ने एजेंसियों के पक्ष में कहा कि मनी लांड्रिंग एक स्वतंत्र अपराध है। इसके लिए समन भेजना सही है। गिरफ्तारी के लिए कारण बताना ही पर्याप्त है। याचिकाकर्ता की ओर कहा गया कि ईडी जैसी जांच एजेंसियों कानून का पूरा पालन नहीं करती हैं। इस पर भी जजों ने जांच एजेंसियों का पक्ष लेते हुए कहा कि ईडी के अधिकारी कोई पुलिस अधिकारी नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा कि PMLA के तहत ईडी को मिले अधिकार बने रहेंगे। सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला उन विपक्षी दलों के लिए तगड़ा झटका है, जो सरकार पर आरोप लगाते हैं कि केंद्र सरकार ईडी जैसी एजेंसियों का उपयोग राजनीतिक विद्धेष की भावना के लिए करती है। फिलहाल याचिका खारिज कर दी गई है। आपको बता दें नेशनल हेराल्ड मामले में राहुल गांधी और सोनिया गांधी से ED पूछताछ कर रही है।  वहीं सुप्रीम कोर्ट में मनी लॉन्डरिंग कानून और ED के साथ अन्य जांच एजेंसियों के खिलाफ याचिका दायर की गई थी।  एजेंसियों की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किये गए थे।सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा कि ईडी को रेड और गिरफ्तारी का अधिकार है। PMLA के तहत ED को सभी अधिकार मिले हुए हैं।  ईडी के असीमित अधिकार बने रहेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने 8 सेक्शन का भी जिक्र किया है। सेक्शन 19  के तहत  बिना वारंट गिरफ्तारी का अधिकार है। राजनीति और समाज की दृष्टि से यह निर्णय बहुत ही महत्वपूर्ण माना जा रहा है।  इसके साथ ही यह जांच एजेंसियों पर सवाल खड़े करने वालों को बड़ा झटका भी है।  न्यायमूर्ति एएम खानविलकर की अध्यक्षता वाली पीठ ने यह  फैसला सुनाया है । न्यायमूर्ति एएम खानविलकर 29 जुलाई को सेवानिवृत्त होंगे। पीठ के अन्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति सीटी रविकुमार और दिनेश माहेश्वरी हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 July 2022

कांग्रेस ने ED की पूछताछ का किया विरोध

  कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर किया हंगामा  हेराल्ड केस मामले में ED ने सोनिया गाँधी से पूछताछ शुरू कर दी है। कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी से ईडी प्रवर्तन निदेशालय लगातार पूछताछकर रहा है। वहीं  राहुल गांधी की गिरफ्तारी को लेकर शहर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं का जमकर हंगामा शुरू है । इसके विरोध में इंदौर  में युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उग्र प्रदर्शन किया। इसे लेकर पुलिस को युवक कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ बलप्रयोग भी करना पड़ा। युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने शहर के ईडी आफिस के मुख्य गेट के आगे प्रदर्शन किया और जमकर हंगामा किया। कार्यकर्ताओं ने मुख्य गेट पर लगी नेमप्लेट पर कालिख पोत दी।  आपको बता दें कांग्रेस ED से पूछताछ का विरोध जता रही है।  इस मामले में अब सियासत भी शुरू हो गई है। इससे पहले राहुल गांधी को ED ने पूछताछ के लिए बुलाया था।  और अब दूसरी बार सोनिया गाँधी से पूछताछ जारी है। राहुल गांधी ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।  जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 July 2022

पीएम मोदी चौधरी हरमोहन सिंह की 10वीं पुण्यतिथि में शामिल हुए

  सामाजिक न्याय की चर्चा ,विपक्ष के विरोध के तरीके पर निशाना   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  वरिष्ठ नेता चौधरी हरमोहन सिंह की 10वीं पुण्यतिथि के मौके पर कानपुर में आयोजित एक कार्यक्रम  सम्बोधित किया।  समारोह को वर्चुअली संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने  सामाजिक न्याय की चर्चा और  विपक्ष के विरोध और उसके तरीके पर भी निशाना साधा।मोदी ने  कहा कि सामाजिक न्याय का अर्थ है- समाज के हर वर्ग को समान अवसर मिलें, जीवन की मौलिक जरूरतों से कोई भी वंचित न रहे। दलित, पिछड़ा, आदिवासी, महिलाएं, दिव्यांग, जब आगे आएंगे, तभी देश आगे जाएगा। वहीं विपक्ष पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि ये हर एक राजनैतिक पार्टी का दायित्व है कि दल का विरोध, व्यक्ति का विरोध... देश के विरोध में न बदले। राजनीतिक महत्वाकांक्षाएं हैं, तो हो सकती हैं। लेकिन, देश सबसे पहले है। पीएम मोदी ने कहा हमारे देश के लिए एक बहुत बड़ा लोकतान्त्रिक दिन भी है। आज हमारी नई राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण हुआ है।आजादी के बाद पहली बार आदिवासी समाज से एक महिला राष्ट्रपति देश का नेतृत्व करने जा रही हैं। उन्होंने कहा लोहिया जी के विचारों को उत्तर प्रदेश और कानपुर की धरती से हरमोहन सिंह यादव जी ने अपने लंबे राजनैतिक जीवन में आगे बढ़ाया। उन्होंने प्रदेश और देश की राजनीति में जो योगदान किया, समाज के लिए जो कार्य किया, उनसे आने वाली पीढ़ियों को मार्गदर्शन मिल रहा है। हरमोहन सिंह यादव जी ने न केवल सिख संहार के खिलाफ राजनैतिक स्टैंड लिया, बल्कि सिख भाई-बहनों की रक्षा के लिए वो सामने आकर लड़े। अपनी जान पर खेलकर उन्होंने कितने ही सिख परिवारों की, मासूमों की जान बचाई। देश ने भी उनके इस नेतृत्व को पहचाना, उन्हें शौर्य चक्र दिया गया। पीएम मोदी ने कहा दलों का अस्तित्व लोकतन्त्र की वजह से है, और लोकतन्त्र का अस्तित्व देश की वजह से है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 July 2022

बंगाल में 20 नहीं 120 करोड़ का भ्र्ष्टाचार हुआ

  मंत्री पार्थ चटर्जी के घर से कई दस्तावेज बरामद    बंगाल के शिक्षक भर्ती घोटाले को लेकर इस समय सियासत गर्म है।  इसमें रोज नए खुलासे हो रहे हैं। वहीं इस मामले में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बैनर्जी ने पल्ला झाड़ लिया है। ममता बनर्जी ने भी ऊपरी तौर पर भ्रष्‍टाचार की आलोचना की है।  प्रवर्तन निदेशालय के वकील ने सोमवार को कोर्ट में सनसनीखेज दावा करते हुए बताया कि स्कूल भर्ती में भ्रष्टाचार बहुत गंभीर है। अब  20 करोड़ से  120 करोड़ के  भ्रष्टाचार की बात सामने आई है। अब  100 करोड़ रुपये की वसूली की जानी है। ईडी की ओर से पेश हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल सूर्यप्रकाश वी राजू ने दावा किया है कि बंगाल के पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी के घर से बड़ी संख्या में ग्रुप डी कार्यकर्ताओं के पहचान पत्र और प्राथमिक शिक्षकों के दस्तावेज बरामद किए गए हैं। इससे स्पष्ट है कि पार्थ चटर्जी न केवल ग्रुप-डी और एसएससी भर्ती भ्रष्टाचार में बल्कि प्राथमिक शिक्षक भर्ती भ्रष्टाचार में भी सक्रिय रूप से शामिल हैं। स्कूल भर्ती में कुल 120 करोड़ रुपये का भ्रष्टाचार सामने आया है।बताया जा रहा है कि  पार्थ चटर्जी प्राथमिक से एसएससी में भर्ती भ्रष्टाचार में सक्रिय रूप से शामिल थे। मंत्री और अर्पिता मुखर्जी ने मिलकर जमीन खरीदी है। ईडी पहले ही पार्थ चटर्जी की करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से 21.90 करोड़ रुपये वसूल कर चुकी है। अब इस मामले में बीजेपी ने ममता बैनर्जी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है।  भ्र्ष्टाचार का मामला तूल पकड़ चुका है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 July 2022

सोनिया गांधी से ED की पूछताछ जारी

  कांग्रेस ने किया विरोध प्रदर्शन  दिल्ली में नेशनल हेराल्ड से जुड़े मनी लांड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से  पूछताछ कर रही है।  एजेंसी ने पहले उनको सोमवार को पूछताछ के लिए बुलाया था।  सोनिया गांधी यह दूसरी बार  पूछताछ हो रही  है।  वहीं कांग्रेस पार्टी पूरे देश में ईडी की कार्रवाई के खिलाफ  प्रदर्शन कर रही है। दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय  पर कार्यकर्ताओं ने इकट्ठे होकर विरोध जताया है।  कांग्रेस नेताओं ने संसद भवन परिसर के बाहर धरना भी दिया। ED से पूछताछ में  राहुल गांधी भी शामिल हुए। वहीं  हंगामा कर रहे कांग्रेसियों को हिरासत में लिया गया। राहुल गांधी ने कहा कि हम महंगाई और बेरोजगारी पर चर्चा करना चाहते हैं, लेकिन सरकार न सदन में बात सुन रही है, ना ही बाहर हमें बोलने दिया जा रहा है। हम शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन पुलिस हमें हटा रही है। हमारे नेताओं को हिरासत में लिया जा रहा है। आपको बता दें इससे पहले राहुल गाँधी से भी पूछ्ताछ की गए थी।  जिसमे कांग्रेस ने विरोध जताया था।  वहीं बीजेपी ने कांग्रेस के इस रवैये पर आपत्ति जाहिर की है।  बीजेपी का कहना है कि कांग्रेस जांच को प्रभावित करने  के लिए विरोध प्रदर्शन करना चाहती है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 July 2022

मकान में हुआ जबरदस्त विस्फोट

  धमाके में 6 लोगों की हुई मौत  बिहार के सारण जिले के खैरा थाना क्षेत्र के खोदाईबाग इलाके में  एक मकान में जबरदस्त विस्फोट हुआ। धमाका इतना तेज था की धमाके  में घर पूरी तरह ध्वस्त हो गया। इसमें  6 लोगों की मौत हो गई है । ये मकान नदी के किनारे बना हुआ था।घर का  बड़ा हिस्सा मलबे के ढेर में तब्दील हो चुका है। खबर लगते ही मौके पर पुलिस और बचावकर्मी पहुंचे । बताया जा रहा है कि मलबे में और लोग दबे हो सकते हैं। लोगों को बचाने का  प्रयास  किया गया । बताया जा रहा है कि जिस मकान में ब्लास्ट हुआ, उसमें रेयाजू मियां और उसके भाई शब्बीर मियां का परिवार एक साथ रहता था।घर में  पटाखा बनाने का काम किया जाता था। पुलिस आपराधिक गतिविधियों के एंगल से भी जांच कर रही है। फिलहाल पुलिस धमाके की वजह और जांच में जुट गई है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 July 2022

बीजेपी शासित राज्यों के सीएम की बैठक

  पीएम मोदी ने की मुख्यमंत्रियों से चर्चा  भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की अहम बैठक दिल्ली में हुई । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी बैठक में हिस्सा लिया और अपने विचार साझा करने के साथ ही राज्यों का विकास कार्यों पर मार्गदर्शन किया।   बैठक में यूपी के सीएम आदित्यनाथ योगी, उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी, असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर, एमपी के शिवराज सिंह चौहान, गोवा के सीएम प्रमोद सावंत, गुजरात के सीएम भूपेंद्र पटेल समेत अन्य नेता भी शामिल हुए। इस बैठक में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केशव मौर्य, ब्रजेश पाठक, देवेंद्र फडणवीस, बिरेन सिंह बसवराज बोम्बई, जयराम ठाकुर भी मौजूद रहे। बैठक में पीएम मोदी ने बीजेपी सीएम शासित राज्यों के 12 सीएम, 8 डिप्टी सीएम के साथ बातचीत की। इस बैठक में पीएम मोदी ने गति शक्ति, हर घर जल और अन्य प्रमुख सरकारी योजनाओं के कार्यान्वयन और संतृप्ति-स्तर कवरेज सुनिश्चित करने की दिशा में आगे बढ़ने पर जोर दिया। पीएम मोदी ने व्यापार करने में आसानी सुनिश्चित करने की आवश्यकता पर विशेष जोर दिया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 July 2022

द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति पद की शपथ ली

  प्रधान न्यायाधीश एनवी रमणा ने दिलाई शपथ    द्रौपदी मुर्मू ने सोमवार को देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद राष्ट्रपति की शपथ ली। प्रधान न्यायाधीश एनवी रमणा ने उनको संसद के केंद्रीय कक्ष में राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई। मुर्मू का राष्ट्रपति बनना कई लिहाज से ऐतिहासिक है। आजादी के 75वें साल में देश का सर्वोच्च पद पहली बार आदिवासी समुदाय के किसी व्यक्ति को मिला है। मुर्मू आजादी के बाद पैदा होने वाली पहली और शीर्ष पद पर काबिज होने वाली सबसे कम उम्र की शख्सियत हैं। प्रतिभा पाटिल के बाद मुर्मू देश की दूसरी महिला राष्ट्रपति हैं। मुर्मू देश की 15 वी राष्ट्रपति बनी है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में शपथ लेने के बाद अपने पहले गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण किया। राष्ट्रपति भवन में पूर्व राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को ट्रि-सर्विस गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।  राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति का पद ग्रहण किया। इस दौरान उनके साथ पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी मौजूद रहे। राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण के दौरान केरल के गवर्नर आरिफ मोहम्मद खान, यूपी की गवर्नर आनंदीबेन पटेल, उत्तराखंड के गवर्नर लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (रिटेड), तेलंगाना गवर्नर और पुडचेरी एलजी डॉ. तमिलिसई साउंडराजन और गोवा गवर्नर पीएस श्रीधराई उपस्थित रहे।संसद के सेंट्रल हॉल में शपथ ग्रहण के बाद राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने पीएम नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्रियों, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और अन्य गणमान्य लोगों का अभिवादन स्वीकार कियाa

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 July 2022

महाराष्ट्र में शिवसेना को लेकर सियासत

  असली शिवसेना कौन जंग जारी है  महाराष्ट्र में सीएम बदलने के बाद अब सियासत असली शिवसेना को लेकर होने लगी है। लेकिन सवाल यह कि असली शिवसेना किसकी? उद्धव गुट और  शिंदे गुट दोनों ने शिवसेना को लेकर ताल ठोक दी है। 8 अगस्त के बाद  इसका निराकारण हो सकता है । चुनाव आयोग ने उद्धव ठाकरे गुट और एकनाथ शिंदे गुट से दस्तावेजी सबूत मांगे है।  जिनसे यह साफ हो सके कि शिवसेना में किसका बहुमत है। दोनों ही धड़ों को 8 अगस्त तक ये सबूत भेजना है और इसी दिन से सुनवाई होगी। पार्टी में बगावत की शुरुआत एकनाथ शिंदे ने की थी, जो अब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बन चुके हैं। अधिकांश विधायक उनके साथ हैं, वहीं 19 में से 12 सांसदों ने भी शिंदे को अपना नेता चुन लिया है। पार्टी का दावा करने के लिए दोनों ही गुट चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटा चुके हैं। उद्धव ठाकरे गुट की ओर से अनिल देसाई ने कई मौकों पर चुनाव आयोग को पत्र लिखकर दावा किया है कि पार्टी के कुछ सदस्य पार्टी विरोधी गतिविधि में शामिल हैं। उन्होंने शिंदे गुट द्वारा 'शिवसेना' या 'बाला साहब' नामों का उपयोग करके किसी भी राजनीतिक दल की स्थापना पर भी आपत्ति जताई थी। अनिल देसाई ने एकनाथ शिंदे, गुलाबराव पाटिल, तांजी सावंत और उदय सामंत को पार्टी पदों से हटाने की मांग की थी। अब  एकनाथ शिंदे खेमे ने चुनाव चिन्ह आदेश, 1968 के पैरा 15 के तहत एपार्टी का चिन्ह 'धनुष और तीर' आवंटित करने के लिए भी याचिका दायर की गई थी। . शिंदे ने चुनाव आयोग को यह भी बताया है कि 55 में से 40 विधायक, विभिन्न एमएलसी और 18 में से 12 सांसद उनके साथ हैं। अभी तक यह पूरा विवाद सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है। उद्धव ठाकरे और शिंदे दोनों शिवसेना के लिए लड़ रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 July 2022

कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी

  महाराष्ट्र, गुजरात और केरल में अलर्ट    भारत मौसम विज्ञान विभाग ने महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान समेत कई राज्यों में भारी बारिश  की चेतावनी जारी की है। आईएमडी के मुताबिक़ अगले पांच दिनों के दौरान देश भर में अधिकतम तापमान में कोई खास बदलाव की संभावना नहीं है। मौसम विभाग ने महाराष्ट्र, गुजरात और केरल के समुद्र तटीय हिस्सों में लोगों को अलर्ट रहने के लिए कहा है। आईएमडी के अनुसार, चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र आंतरिक ओडिशा और इससे सटे छत्तीसगढ़ के हिस्सों में बना हुआ है। अगले कुछ दिनों में कोंकण और गोवा में भारी बारिश, गरज और बिजली गिरने की संभावना है। वहीं 24 और 25 जुलाई को गुजरात, सौराष्ट्र और कच्छ में भारी बारिश हो सकती है। 24 से 28 जुलाई के दौरान तटीय आंध्र प्रदेश, मध्य महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पुडुचेरी में मानसून का व्यापक असर देखने को मिल सकता है। इसी तरह तेलंगाना में 24 और 25 जुलाई को भारी से बहुत भारी वर्षा और 26 से 28 जुलाई के दौरान भारी वर्षा की संभावना है। 24 जुलाई को जम्मू और कश्मीर में कहीं छिटपुट, तो कहीं भारी हो सकती है। इसी तरह 28 जुलाई तक हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब और हरियाणा-चंडीगढ़ में व्यापक वर्षा का अनुमान है। 27 और 28 जुलाई के दौरान उत्तर प्रदेश के साथ ही पश्चिमी और पूर्वी राजस्थान में बारिश का अनुमान लगाया गया है। छत्तीसगढ़, विदर्भ, मध्य प्रदेश में व्यापक वर्षा और गरज बिजली गिरने की संभावना है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 July 2022

भारत में मंकीपॉक्स के चार मामले

  केरल के बाद दिल्ली में मंकीपॉक्स का मामला   भारत में मंकीपॉक्स की एंट्री के बाद अब केस बढ़ने लगे हैं। ताजा मामला राजधानी दिल्ली में सामने आया है। इस शख्स की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। जिसने चिताएं बढ़ा दी हैं। दो दिन पहले जांच के लिए सैंपल एनआइवी पुणे भेजा गया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यह देश में मंकीपॉक्स का चौथा केस है। इससे पहले के तीन मरीज केरल में मिले हैं। पश्चिमी दिल्ली के 32 वर्षीय युवक में संक्रमण पाया गया है। मरीज 25 जून को हिमाचल प्रदेश घुमने गया था और 27 को दिल्ली लौट आया था। वह गुरुग्राम स्थित अमेरिकन एक्सप्रेस बैंक में काम करता है। आशंका जताई जा रही है कि इसी दफ्तर में वह किसी बाहरी शख्स के सम्पर्क में आया होगा। मरीज को लोकनायक अस्पताल भर्ती कराया गया है।   विश्व स्वास्थ्य संगठन ने शनिवार को ही मंकीपॉक्स को वैश्विक स्वास्थ्य आपात स्थिति घोषित कर दिया। संगठन ने सभी देशों से समलैंगिक समुदाय के साथ मिलकर काम करने और प्रभावित समुदायों के स्वास्थ्य, मानवाधिकारों और गरिमा की रक्षा के लिए उपाय करने का आह्वान किया। मंकीपॉक्स अब तक 75 देशों में फैल चुका है और इसके 16,000 से ज्यादा मामले अब तक सामने आ चुके हैं जिसमे  पांच लोगों की मौत भी हो चुकी है। भारत की बात करें  तो  केरल में मंकीपॉक्स के सभी तीन पुष्ट मामले सामने आए हैं।  केरल के स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा, 'तीसरा मरीज 6 जुलाई को संयुक्त अरब अमीरात से लौटा था। बुखार की शिकायत करने के बाद उसे भर्ती कराया गया था।' मंकीपॉक्स एक वायरल जूनोटिक संक्रमण है।  यह ज्यादातर मानव संपर्क के माध्यम से फैलता है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 July 2022

कांवड़ भरकर ग्वालियर आ रहे कांवड़ी हादसे शिकार हुए

  हादसे में पांच लोगों की घटनास्थल पर ही मौत   उत्तरप्रदेश में हरिद्वार से कांवड़ भरकर ग्वालियर आ रहे कांवड़ियों का  एक दल  सड़क हादसे का शिकार हो गया। हादसे में पांच लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई है। वहीं एक ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। दाेनाें घायलाें काे उपचार के लिए आगरा पहुंचाया गया। यहां उपचार के दाैरान एक गंभीर मरीज की माैत हाे गई। जिस डंपर ने कांवड़‍ियों को कुचला वो भी ग्वालियर के ठाकुर ट्रांसपोर्ट का बताया जा रहा है।  पुलिस ने चालक प्रवेश को गिरफ्तार कर लिया है। उधर मृतकाें के शव उटीला पहुंचे ताे स्वजनाें का गुस्सा भड़क उठा। स्वजनाें ने शवाें काे बड़ागांव हाइवे पर रखकर चक्काजाम कर दिया है। हादसे को लेकर लाेकसभा स्पीकर ओम बिरला ने ट्वीट कर दुख जताता है। उन्होंने लिखा मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवाराें के साथ है। उन्हाेंने कांवड़ियाें से सुरक्षा के प्रति सतर्क रहने का आग्रह भी किया है।  हाथरस जिला प्रशासन ने पीड़ित परिवाराें काे एक-एक लाख की आर्थिक सहायता तत्काल प्रभाव से प्रदान की है। सभी कावड़िये गंगाजल लेकर हरिद्वार से ग्वालियर जा रहे थे ।  जानकारी मिलते ही पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए। गंभीर रूप से घायल दो कावड़ियों को उपचार के लिए आगरा भेजा गया, जिसमें से एक घायल की माैत हाे गई। हादसे का शिकार सभी लाेग बांगि खुर्द थाना उटीला जिला ग्वालियर मध्य प्रदेश के निवासी हैं। घटना के बाद कांवड़ियाें में खासा आक्राेश है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 July 2022

नही रहे ‘भाभीजी घर पर हैं के मलखान

  दीपेश भान की गिरने से हुई मौत  टीवी इंडस्ट्री से  दुखद खबर आई है। टेलीविजन के मशहूर  शो ‘भाभीजी घर पर हैं’ में मलखान का किरदार निभाने वाले दीपेश भान का अचानक  निधन हो गया है।  दीपेश भाग लंबे समय तक इस सीरियल से जुड़े रहे। दीपेश भान  क्रिकेट खेलते समय अचानक गिरने से उनकी मौत हो गई है। दीपेश के परिवार में उनकी पत्नी और एक छोटा बच्चा है।‘भाभीजी घर पर हैं’ सीरियल के अलावा भी दीपेश कई टेलीविजन प्रोजेक्ट से जुड़े थे। 'भाभीजी घर पर हैं' से पहले वह 'कॉमेडी का किंग कौन', 'कॉमेडी क्लब', 'भूत वाला', 'एफआईआर' समेत कई कॉमेडी शो में काम कर चुके थे। आमिर खान के साथ टी-20 वर्ल्ड कप के विज्ञापन में दीपेश नजर आए थे 2007 में रिलीज हुई फिल्म 'फालतू उत्पतंग चटपटी कहानी' में उन्होंने काम किया था। शुक्रवार को दीपेश भाग क्रिकेट खेल रहे थे, तभी अचानक वह गिर पड़े और जब उन्हें अस्पताल ले जाया गया तो डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। सहायक निर्देशक के साथ-साथ अभिनेता वैभव माथुर ने भी दीपेश भान की मौत की खबर की पुष्टि की है। उन्होंने दीपेश के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि हां वह नहीं रहे। मैं इस पर कुछ नहीं कहना चाहता, क्योंकि कहने को कुछ बचा ही नहीं है।‘भाभी जी घर पर हैं’ शो में दीपेश और माथुर दो दोस्त के रोल में थे और दोनों की काफी अच्छी बनती थी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 July 2022

स्कूल सेवा आयोग भर्ती घोटाले में ईडी की बड़ी कार्रवाई

  मंत्री पार्थ चटर्जी को  गिरफ्तार किया गया   बंगाल स्कूल सेवा आयोग भर्ती घोटाले में ईडी ने बड़ी कार्रवाई  की है। ममता बनर्जी के करीबी और मौजूदा सरकार में उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी को  गिरफ्तार किया गया है। पार्थ चटर्जी पर प्रदेश के शिक्षा मंत्री रहते शिक्षक भर्ती में भ्रष्टाचार करने के आरोप हैं।  पार्थ चटर्जी को उनके करीबियों के यहां ईडी ने छापे मारे थे। इस दौरान उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी के घर से 20 करोड़ रुपए कैश और महंगे मोबाइल मिले थे। आगे की पूछताछ में पार्थ चटर्जी यह नहीं बता सके कि यह रकम कहां से आई थी।  वहीं अर्पिता को हिरासत में लिया गया है। तृणमूल कांग्रेस के मौजूदा उद्योग और संसदीय कार्य मंत्री और पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी और शिक्षा राज्य मंत्री परेश चंद्र अधिकारी के आवासों समेत 14 जगहों पर छापेमारी की गई। इस दौरान दक्षिण 24 परगना में मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के घर से 20 करोड़ रुपये नकद बरामद किए गए। बताया जा रहा है कि  शिक्षक भर्ती घोटाले में रिश्वत के तौर पर ली गई थी।  मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के घर से 20 करोड़ रुपये नकद बरामद किए गए हैं। इन पैसों को दो थैलियों में छिपाकर रखा गया था। इसके अलावा अर्पिता के घर से 20 कीमती मोबाइल फोन, सोना, विदेशी मुद्रा, जमीन के दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 July 2022

कर्नाटक में टोल गेट पर भीषण सड़क हादसा

  दर्दनाक हादके में तीन लोगों की मौत    कर्नाटक के बिंदूर के पास एक टोल गेट पर भीषण सड़क हादसा हो गया। सड़क हादसे का दिल दहलाने का वीडियो बहुत ही भीषण रहा । वीडियो में   तेज रफ्तार एंबुलेंस के परखच्चे उड़ गए। वीडियो में देखा जा सकता है कि कुछ लोग एंबुलेंस को रपटते हुए देखकर प्लास्टिक बैरिकेड्स हटाने के लिए भागते हुए नजर आ रहे हैं। एक गार्ड ने दो बैरिकेड्स को हटा दिया था। लेकिन आखिरी बैरिकेड को हटाने के चक्कर में वह एंबुलेंस की चपेट में आ गया।  दर्दनाक हादके में तीन लोगों की मौत हो गई। मृतकों में एंबुलेंस में सवार एक मरीज समेत तीन लोग शामिल हैं। इनमें से एक मृतक टोल कर्मी बताया जा रहा है। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार कर्नाटक के उडुपी जिले में बिंदूर के पास एक मरीज और दो परिचारकों को ले जा रही एंबुलेंस ने कंट्रोल खो दिया। वह टोल बूथ से टकरा गई। जिसमें एंबुलेंस में सवार तीन लोग और एक टोल अटेंडेंट की मौत हो गई। यह खौफनाक घटना टोल बूथ पर लगे सीसीटीवी में कैद हो गई। रिपोर्ट के अनुसार हादसा बरसात में एंबुलेंस के रपटने के कारण हुआ। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 July 2022

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर मतदान जारी

  द्रौपदी मुर्मू या यशवंत सिन्हा फैसला आज  देश के राष्ट्रपति चुनाव को लेकर वोटिंग आज हो रही है। बीजेपी की द्रौपदी मुर्मू और यूपीए से यशवंत सिन्हा राष्ट्रपति उम्मीदवार हैं। देश का अगला राष्ट्रपति कौन होगा, इसका फैसला आज शाम तक हो जाएगा। संसद भवन में राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटों की गिनती सुबह 11 बजे शुरू हो चुकी है। राष्ट्रपति चुनाव में सत्तारूढ़ एनडीए की तरफ से द्रौपदी मुर्मू मैदान में हैं, वहीं विपक्ष की ओर से साझा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को उतारा गया था। सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम करीब 4 बजे चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद द्रौपदी मुर्मू से मिलने जाएंगे। द्रौपदी मुर्मू की जीत तय मानी जा रही है, यही कारण है कि द्रोपदी मुर्मू के निवास पर भी तैयारियों शुरू कर दी गई है।  द्रौपदी मुर्मू की जीत लगभग तय मानी जा रही है। राष्ट्रपति चुनाव के लिए 18 जुलाई को मत डाले गए थे। आज सुबह संसद भवन में जब वोटों की गिनती शुरू होगी तो सबसे पहले विधायकों के मतों की गिनती शुरू होगी, इसके बाद सांसदों के वोटों की गिनती शुरू होगी। इसके बाद रिटर्निंग ऑफिसर राज्यसभा के महासचिव पीसी मोदी वोटों की जांच करेंगे। नियम के मुताबिक सांसदों के मतपत्र में हरे रंग के पेन से और विधायकों के मतपत्र में गुलाबी रंग के पेन से प्राथमिकता लिखी जाएगी। मतगणना रूम में मुर्मू और सिन्हा के नाम से एक-एक ट्रे रखी जाएगी। मुर्मू के लिए प्राथमिकता वाला बैलेट पेपर उनकी ट्रे में रखा जाएगा और यशवंत सिन्हा के लिए प्राथमिकता वाला बैलेट पेपर उनकी ट्रे में रखा जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 July 2022

ED कार्यालय पहुंची कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी

  कांग्रेसियों का प्रदर्शन , बीजेपी ने किया पलटवार  ED कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से नेशनल हेराल्ड केस में पूछताछ करेगा। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी नेशनल हेराल्ड मामले में हुए भ्रष्टाचार को लेकर पूछताछ के लिए ED कार्यालय पहुंची।  उनके साथ राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा भी मौजूद है।वहीं  कार्रवाई के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ता देशभर सत्याग्रह प्रदर्शन कर रहे हैं।  पुलिस ने सचिन पायलट, हरीश रावण, रणदीप सुरजेवाला, जयराम रमेश सहित कई कांग्रेस नेताओं को हिरासत में ले लिया है।  राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा  कि ED को सोनिया गांधी के घर जाकर बयान लेना चाहिए था। गहलोत ने कहा कि सोनिया गांधी वह महिला है, जिनकी सास और पति देश के लिए शहीद हो गए। सरकार को इतनी शर्म नहीं आती है कि आप किसके साथ किस तरह का व्यवहार कर रहे हैं। वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि आम जनता और कांग्रेस कार्यकर्ता सोनिया गांधी को ईडी ऑफिस में बुलाकर पूछताछ करने से काफी नाराज है। भाजपा मोदी जी को कितना बचाते हैं जब वे मोदी जी के लिए ये कर सकते हैं तो हम सोनिया गांधी के लिए नहीं कर सकते हैं। इसको लेकर बीजेपी ने जवाब दिया। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने  कहा कि अगर कांग्रेस के पास छिपाने के लिए कुछ ना हो तो हंगामा करने की जरूरत नहीं है। ये तिलमिलाहट क्यों है, घबराहट क्यों है, छटपटाहट क्यों है? ये कहीं ना कहीं दिखाता है कि दाल में कुछ काला है या तो पूरी दाल ही काली है। केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर ने भी कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस अपने कार्यकर्ताओं को सड़क पर इसलिए उतार रही है ताकि जिस मामले में ED ने बुलाया है, लोगों का ध्यान उधर से भटकाया जाए। कांग्रेस ने संसद में केंद्र सरकार पर आरोप लगाया है कि राजनीतिक कारणों से विपक्षी नेताओं के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय के हथियार की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। कांग्रेस ने संसद में इस मुद्दे पर चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव दिया है। पूछताछ पर कांग्रेस पार्टी के सत्याग्रह पर भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ये सत्याग्रह नहीं, देश और देश के कानून, देश की संस्थाओं के खिलाफ दुराग्रह है. सोनिया गांधी और राहुल गांधी इस मामले में बेल पर हैं, इन दोनों पर धोखाधड़ी का भी आरोप है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 July 2022

अग्निवीर योजना भर्ती में जाति का मामला

  विपक्ष हुई हमलावर , सत्ता पक्ष ने दिया जवाब  अग्निवीर योजना जो की सेना में भर्ती की है , एक बार फिर चर्चा में है।  सुप्रीम कोर्ट में योजना के खिलाफ  सुनवाई हुई। अब जाति पूछकर भर्ती करने को लेकर विवाद हुआ। इस पर सरकार, सेना और भाजपा की ओर से सफाई दी गई। रक्षा मंत्रा राजनाथ सिंह ने साफ किया कि सेना की भर्ती प्रक्रिया में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया गया है। 1949 से जारी योजना का पालन हो रहा है। यही बात सेना की ओर से कही गई। बिहार में आरोप लगाया गया है कि अग्निवीर योजना के तहत जाति पूछकर भर्ती की जा रही है। जदयू नेता उपेंद्र कुशवाह ने ट्वीट किया, 'माननीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह जी, सेना की बहाली में जाति प्रमाण पत्र की क्या जरूरत है, जब इसमें आरक्षण का कोई प्रावधान ही नहीं है। संसद में भी यह मुद्दा उठा। आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने कहा, मोदी सरकार का असली चेहरा देश के सामने आ चुका है। क्या मोदी जी दलितों/पिछड़ों/आदिवासियों को सेना भर्ती के क़ाबिल नही मानते? भारत के इतिहास में पहली बार “सेना भर्ती “ में जाति पूछी जा रही है। मोदी जी को “जातिवीर” बनना है।  अग्निवीर के खिलाफ दायर याचिकाओं पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट को बताया गया कि केंद्र सरकार की इस भर्ती योजना के खिलाफ दिल्ली, केरल, पटना, पंजाब और उत्तराखंड हाई कोर्ट में याचिकाएं दर्ज हैं। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि बेहतर होगा कि याचिकाओं पर पहले किसी एक हाई कोर्ट में सुनवाई हो। हाई कोर्ट का रुख सामने आने के बाद सर्वोच्च अदालत के लिए आगे सुनवाई करना बेहतर होगा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 July 2022

NEET में छात्राओं के इनर वियर उतरवाये गए

  केरल फिर एक बार विवादों में आया  केरल के कोल्लम जिले के एक निजी शिक्षण संस्थान में  NEET की परीक्षा हुई। यहां परीक्षा के दौरान कुछ छात्राओं को बेहद अपमानजनक परिस्थिति का सामना करना पड़ा। जिसपर पर अब विवाद शुरू हो गया है।  परीक्षा से पहले कुछ छात्राओं को जांच के दौरान इनरवियर भी उतारने के लिए कहा गया। ऐसा नहीं करने पर उन्हें परीक्षा में शामिल होने से रोका जा रहा था। अब केरल पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है। बताया जा रहा है कि  कोल्लम जिले में एनईईटी परीक्षा में शामिल होने वाली छात्राओं के जांच के नाम पर इनरवियर उतारने के लिए मजबूर किया गया।  युवतियों के बयान के बाद महिला अधिकारियों की टीम ने मामला दर्ज किया है। नीट परीक्षा के आयोजन के दौरान मामला सोमवार को तब सामने आया जब एक 17 वर्षीय लड़की के पिता ने बताया कि उसकी बेटी नीट की परीक्षा में शामिल हुई थी और वह इस घटना से अभी तक सदमे में है। पीड़िता के पिता ने कहा कि बेटी को परीक्षा के लिए 3 घंटे से अधिक समय तक बिना अंडरवियर के बैठना पड़ा। लड़की के पिता ने कहा कि उनकी बेटी ने नीट बुलेटिन में उल्लिखित ड्रेस कोड के अनुसार कपड़े पहने थे।लेकिन मैनेजमेंट ने छात्राओं के साथ बदसलूकी की। शर्मनाक घटना को लेकर विभिन्न युवा संगठनों ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। केरल राज्य मानवाधिकार आयोग ने भी घटना की जांच के आदेश दिए हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 July 2022

12 बागी विधायकों को  Y श्रेणी की सुरक्षा दी गई

शिवसेना में विधायकों के बाद अब सांसद बागी      शिवसेना में विधायकों के बाद अब सांसद भी बागी हो गए हैं।  शिवसेना के 19 में से 12 विधायक एकनाथ शिंदे गुट को मान्यता देने की मांग कर सकती है। बताया जा रहा  है कि शिवसेना के इन 12 बागी विधायकों को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने Y श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की है। यह सुरक्ष दिल्ली के साथ मुंबई में भी दी  जाएगी। 12 विधायकों के बागी होने की भनक लगते ही मातोश्री में हंगामा मच गया। उद्धव गुट के शेष सांसदों में से विनायक राउत, राजन विचारे, बंडू जाधव और अरविंद सावंत ने सोमवार को ही लोकसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर खुद को असली शिवसेना संसदीय दल होने की गुहार लगा दी। पत्र में कहा गया है कि शिवसेना के धड़े के नेता विनायक राउत और मुख्य सचेतक राजन विचारे हैं। इनके अलावा अगर शिवसेना का कोई धड़ा नेता या मुख्य सचेतक के तौर पर कोई पत्र देता है तो उसे मान्यता नहीं दी जानी चाहिए। अब सभी की नजर मंगलवार को होने वाली लोकसभा की कार्रवाई पर है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी को बर्खास्त कर नई कार्यकारिणी की घोषणा की। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने सोमवार को राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान के तुरंत बाद विधान भवन के पास स्थित एक पांच सितारा होटल में अपने गुट के विधायकों और कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाकर शिवसेना की पुरानी कार्यकारिणी को बर्खास्त कर नई कार्यकारिणी की घोषणा की। नई कार्यकारिणी में उनके गुट में पहले से शामिल गुलाबराव पाटिल, उदय सामंत, शरद पोंखे, यशवंत जाधव, तानाजी सावंत, विजय नाहटा और शिवाजीराव अदलराव पाटिल जैसे विधायकों और नेताओं को शामिल किया गया है। अब यह मामला  संसद में उठ सकता है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 July 2022

UPA उपराष्ट्रपति उम्मीदवार हैं मार्गरेट अल्वा

  सत्तापक्ष से जगदीप धनखड़ उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार    यूपीए ने अपने उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार का ऐलान कर दिया है।कांग्रेस की वरिष्ठ नेता मार्गरेट अल्वा को UPA की ओर से  उम्मीदवार चुना गया है। NCP सुप्रीमो शरद पवार ने विपक्षी दलों के साथ हुई अहम बैठक में ये फैसला लिया।  एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी जानकारी दी। बैठक में 17 राजनीतिक दलों के नेता शामिल हुए थे। इससे पहले शनिवार को सत्तापक्ष ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया है। उपराष्ट्रपति पद के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 19 जुलाई है। कर्नाटक के मेंगलुरू में जन्मी 80 साल की मार्गरेट अल्वा गोवा, गुजरात, राजस्थान और उत्तराखंड की राज्यपाल रह चुकी हैं। अल्वा का लंबा राजनीतिक करियर रहा है। कांग्रेस सांसद रहते हुए वो केन्द्र सरकार में चार बार महत्वपूर्ण महकमों की राज्यमंत्री भी रह चुकी हैं। कांग्रेस की नेता मार्गरेट अल्वा 1974 में पहली बार सांसद बनीं। तब से लेकर कुल पांच बार सांसद चुनी गईं। कांग्रेस सरकार में महिला सशक्तिकरण संबंधी नीतियों को तैयार कराने और उन्हें पास कराने में अल्वा का अहम योगदान रहा है। मार्गरेट अल्वा ने विपक्ष के इस फैसले पर आभार जताया है। उन्होंने ट्वीट किया कि ये एक बड़ा सम्मान है और मुझ पर विश्वास जताने के लिए मैं विपक्ष के सभी नेताओं को धन्यवाद देती हूं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 July 2022

ज्ञानवापी परिसर में मिले शिवलिंग की पूजा की याचिका स्वीकार

  सुप्रीम कोर्ट ने 21 जुलाई की तारीख तय की   वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद के परिसर में मिले शिवलिंग की पूजा की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकार कर ली है । सावन माह में पूजा करने की अनुमति वाली याचिका सुनवाई के लिए स्वीकार करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 21 जुलाई की तारीख तय की।गौरतलब है कि वाराणसी की जिला अदालत द्वारा आदेशित सर्वेक्षण के दौरान ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में शिवलिंग पाया गया था।मुख्य न्यायाधीश एन वी रमना, न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी और न्यायमूर्ति हिमा कोहली की पीठ ने वकील विष्णु शंकर जैन की दलीलों को सुनने के बाद इस याचिका को 'अंजुमन इंटेजेमिया मस्जिद समिति' की लंबित याचिका के साथ 21 जुलाई को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध करने का आदेश दिया। हिंदू पक्ष का कहना है कि सावन का पवित्र माह शुरू हो चुका है।  न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली एक अन्य पीठ ने ज्ञानवापी-शृंगार गौरी परिसर के सर्वेक्षण को चुनौती देने वाली मस्जिद समिति की याचिका को स्वीकार कर लिया है। इसकी सुनवाई भी 21 जुलाई को हो सकती है।शिवलिंग की पूजा करना उनका अधिकार है। इसी याचिका में शिवलिंग की उम्र का पता लगाने के लिए उसकी कार्बन डेटिंग की भी मांग की गई है। सोमवार को सुनवाई के दौरान अदालत से कहा कि 'यह एक याचिका है जो शिवलिंग के दर्शन और पूजा की अनुमति देने के लिए है जो कि परिसर में पाया गया है। साथ ही एएसआई को शिवलिंग की कार्बन डेटिंग करने का निर्देश देने की भी बात इसमें कही गई है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 July 2022

15वें राष्ट्रपति के चुनाव के लिए मतदान

  बीजेपी का राष्ट्रपति चुनाव का दावा , हुई क्रॉस वोटिंग  देश के 15वें राष्ट्रपति के चुनाव के लिए मतदान हुआ । संसद भवन और राज्य विधानसभाओं में सुबह 10 बजे से जारी मतदान शाम 5 बजे तक हुआ । इस बीच, राष्ट्रपति चुनाव में भी क्रॉस वोटिंग की खबरें आई हैं। विपक्ष के प्रत्याशी यशवंत सिन्हा ने कहा था कि लोग अपनी अंतर्रात्मा की आवाज सुनकर उनके पक्ष में वोट करे, लेकिन हो रहा इसका उल्टा है। विपक्षी विधायक  द्रौपदी मुर्मू को समर्थन दे रहे हैं। इस मामले में गुजरात में एनसीपी को झटका लगा है। पार्टी के एकमात्र विधायक कांधल जाडेजा ने राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग कर एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को वोट दिया। इसी तरह, ओडिशा कांग्रेस विधायक मोहम्मद मोकीम ने क्रॉस वोटिंग की। मतदान के बाद उन्होंने कहा, मैं एक कांग्रेस विधायक हूं लेकिन मैंने एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को वोट दिया है। वहीं, AICC महिला कांग्रेस महासचिव, आदिवासी और तेलंगाना की कांग्रेस विधायक सीता कमलन ने भी द्रौपदी मुर्मू को वोट किया। इसी तरह, बरेली के भोजीपुरा से समाजवादी पार्टी के विधायक शाहजील इस्लाम ने राष्ट्रपति चुनाव में कथित तौर पर क्रॉस वोटिंग की है। उन्होंने द्रौपदी मुर्मू को वोट दिया है, जबकि उनकी पार्टी यशवंत सिन्हा का समर्थन कर रही है। इससे पहले शिवपाल सिंह यादव ने कहा, नेताजी (मुलायम सिंह यादव) को आईएसआई एजेंट कहने वाले विपक्षी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा का हम कभी समर्थन नहीं कर सकते। सपा के कट्टर नेता, नेताजी के सिद्धांतों का पालन करने वाले ऐसे उम्मीदवार का कभी समर्थन नहीं करेंगे। देश भर के 4809 विधायक और सांसद राष्ट्रपति चुनाव में मतदान कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद भवन में मतदान किया। वोटों की गणना में पार्टी और विपक्ष के बीच भारी अंतर को देखते हुए एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का देश के अगले राष्ट्रपति के रूप में चुनाव होना तय है।  संसद भवन परिसर में मानसून सत्र शुरू होने से पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सरकार के तमाम वरिष्ठ मंत्री और सांसद, विपक्षी-सांसदों के नेता भी वोट डाल रहे हैं। राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार मुर्मू को न सिर्फ बीजद, वाईएसआर कांग्रेस, अकाली दल बल्कि सत्ताधारी गठबंधन के अलावा जेडीएस, झामुमो, शिवसेना और टीडीपी जैसे विपक्षी दलों का भी समर्थन मिला है। बीजेपी का दावा है की एनडीए की द्रौपदी मुर्मू ही रहतरपति बनेंगी।  यह देश के लिए ऐतिहासक क्षण होगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 July 2022

उप राष्ट्रपति के पद के लिए भाजपा की बैठक

  मुख्तार अब्बास नकवी ,आरिफ मोहम्मद खान ,जगदीप धनखड़ ,कैप्टन अमरिंदर सिंह संभावित    भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक में उप राष्ट्रपति के पद के लिए प्रत्याशी पर विचार किया जाएगा। उम्मीद जताई जा रही है कि भाजपा अपने सहयोगी दलों के साथ विचार-विमर्श करने के बाद नाम का ऐलान कर सकती है।  भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक में पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल होंगे।  खबर है कि उप राष्ट्रपति पद के लिए भाजपा इस बार किसी अल्पसंख्यक वर्ग के चेहरे पर दांव लगा सकती है। बताया जा रहा है  सत्तारूढ़ NDA गठबंधन में प्रमुख सहयोगी दलों को भी भाजपा अपने उम्मीदवार के नाम पर विचार-विमर्थ करेगी। यह चुनाव पर आम सहमति लेने के लिए विभिन्न दलों के साथ एक राय होने का जरिया होगा।  माना जा रहा है कि विपक्ष भी राष्ट्रपति चुनाव की तरह उपराष्ट्रपति चुनाव में भी एक साझा उम्मीदवार खड़ा कर सकता है। सत्ता पक्ष के राष्ट्रपति व उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों की जीत होना लगभग तय माना जा रहा है। इस चुनाव में भी BJD और YSR कांग्रेस जैसे दल भी भाजपा का साथ दे सकते हैं। हाल ही में अल्पसंख्यक कल्याण मंत्रालय से इस्तीफा देने वाले मुख्तार अब्बास नकवी का नाम सबसे ऊपर चल रहा है। वहीं केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान और पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ भी इस रेस में शामिल है। इसके अलावा ऐसा माना जा रहा है कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नजमा हेपतुल्ला के नाम भी उपराष्ट्रपति के उम्मीदवार के रूप में चर्चा में है। आपको बता दें  उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की आखिरी तारीख 19 जुलाई है। उपराष्ट्रपति पद के लिए चुनाव 6 अगस्त को होना है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 July 2022

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सियासत जारी

  कांग्रेस के आरोप तो वहीं बीजेपी का जीत का दावा  अंतरात्मा की आवाज ये वो शब्द थे जिसने राष्ट्रपति चुनाव के मायने ही बदलकर रख दिए थे। राष्ट्रपति चुनाव में  सत्ताधारी पार्टी के उम्मीदवार को इन शब्दों से हार का सामना करना पड़ा था। जी हाँ हम बात कर रहे हैं पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के शब्दों की।  जिसमे उन्होंने कहा था की वोट डालते समय जनप्रतिनधि अपने अंतरात्मा की आवाज सुने।  मतदान हुआ और इन शब्दों ने इतिहास पलट कर रख दिया  तारीख 3 मई 1969 . देश के तीसरे राष्ट्रपति डॉ. जाकिर हुसैन का अचानक निधन हो गया। तत्कालीन उप-राष्ट्रपति वराहगिरी वेंकट गिरी  को कार्यवाहक राष्ट्रपति बनाया गया। उस समय देश की प्रधानमंत्री थी इंदिरा गाँधी।  यह वह समय था जब इंदिरा गांधी और सत्ता धारी पार्टी के बीच टकराव चरम पर  था। कांग्रेस पार्टी यानी सत्ताधारी पार्टी के राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी थे नीलम संजीव रेड्डी और संभवतः अब तक यही चलता आया था की जो पार्टी केंद्र की सत्ता में होती थी उसी का पार्टी का राष्ट्रपति बनता था। और उस समय कांग्रेस पार्टी का बहुमत भी था। लेकिन मजेदार बात इसमें ये रही की सत्ताधारी पार्टी की प्रधानमंत्री को नीलम संजीवा रेड्डी नहीं राष्ट्रपति के तौर पर वीवी गिरी चाहिए थे    कहते हैं इंदिरा गांधी के कहने पर वीवी गिरी ने राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए पर्चा भरा।  उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर ताल ठोकी।  कांग्रेस पार्टी के अंदर तब सिंडिकेट का वर्चस्व चलता था।  भी बताई जा रही है कि  पार्टी  ने इंदिरा को भरोसे में लिए बिना नीलम संजीवा रेड्डी का नाम राष्ट्रपति पद के लिए घोषित कर दिया  था। जिससे इंदिरा नाराज थी। जानकार तो ये भी बताते हैं कि कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने जो सोचकर इंदिरा गांधी को पीएम बनाया था वो नहीं हो रहा था। पार्टी के बड़े नेता इंदिरा को गूंगी गुड़िया समझ रहे थे। और जब इंदिरा पीएम बानी और जिस तरीके से उन्होंने निर्णय लेने शुरू किये। उससे पार्टी को ये समझ में आ गया था कि ये गूंगी गुड़िया नहीं है। और इनको रोक पाना मुश्किल है। और हुआ भी वही।  कहने का मतलब यह कि नीलम संजीवा रेड्डी कांग्रेस के ऑफिशियल कैंडिडेट  बने।  जिनका प्रचार कर रहे थे तब के दिग्गज के. कामराज, निजलिंगप्पा और अतुल्य घोष जैसे नेता।  सिंडिकेट का यह फैसला इंदिरा को पसंद नहीं था। आखिर में उन्होंने  मतदान के ठीक एक दिन पहले सभी कांग्रेसी सांसदों और विधायकों से अपनी अंतरआत्मा की आवाज पर वोट डालने की अपील कर दी। और इसी अपील ने रचा एक नया इतिहास। देश की राजनीती में पहली बार खेल बदला था।  कांटे के मुकाबले में नीलम संजीव रेड्डी बहुत कम अंतर से चुनाव हार गए। और वीवी गिरी 24 अगस्त 1969 को देश के चौथे राष्ट्रपति बन गए। अब ये पूरी कहानी इसलिए की हाल ही में यूपीए के राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी यशवंत सिन्हा भी उसी अंदाज में नजर आये। हालांकि यशवंत सिन्हा पहले बीजेपी में हुआ करते थे। बीजेपी कार्यकाल में वो दो बार वित्त मंत्री रह चुके हैं।  इसके बाद टिकिट न मिलने से नाराज होकर उन्होंने तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया था। और अब राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी है। यशवंत सिंह भोपाल में कांग्रेस के विधायकों से मिलने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी पर विधायक खरीदने समेत  कई आरोप लगाए। यशवंत सिन्हा ने कहा महाराष्ट्र , मध्यप्रदेश सहित कई राज्यों में विधायक खरीदे गए। राष्ट्रपति चुनाव के लिए इस तरह करना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।  यशवंत सिन्हा ने भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर भी केंद्र पर कई सवाल उठाये। उन्होंने कहा आज रूपये की वैल्यू निचले स्तर तक पहुँच गई है।  फोरेक्स रिज़र्व में प्रभाव पड़ा है।  हालांकि उन्होंने भारत की श्रीलंका जैसी स्थिति होने से साफ़ इंकार कर दिया  ...उन्होंने बाकायदा ये बताया की भारत में सिर्फ टूरिज्म या अन्य व्यवसाय नहीं है। आसान भाषा में कहें तो भारत में व्यापार के कई माध्यम है तो देश की स्थिति वैसी नहीं होगी। लेकिन उन्होंने मध्यप्रदेश में कर्ज की स्थिति पर चिंता जाहिर की। यशवंत सिन्हा ने एक सवाल के जवाब में कहा कि अतीत में जब वह भाजपा में थे।  तब कि भाजपा और वर्तमान की भाजपा में बहुत अंतर है।  सिन्हा ने कहा, ‘दोनों दल अलग-अलग हैं। अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी के नेतृत्व वाली भाजपा एक वोट से विश्वास मत हार गई थी। 1999 में वाजपेयी के नेतृत्व वाली सरकार एक वोट से हार गई थी। और मैं इसे एक बहुत ही गौरवमय अध्याय के रूप में मानता हूं... सिर्फ एक वोट से। उन्होंने सवाल खड़े करते हुए कहा  क्या अब आप कल्पना कर सकते हैं कि केंद्र या राज्यों में भाजपा सरकार एक वोट से हार सकती है?’ उन्होंने कहा, ‘आपको यह भी याद होगा कि उस समय विश्वास प्रस्ताव हारने के बाद वाजपेयी जी ने कहा था कि मंडी में माल बिक्री के लिए था।  लेकिन हमने खरीदा नहीं। आज उमंग सिंघार  ने खरीदने की बात की।  भाजपा कहां गई है?’ यह पूछे जाने पर कि क्या भाजपा के कुछ लोग अब भी चुनाव में उनका समर्थन कर रहे हैं, उन्होंने कहा कि स्थिति के सामने आने का इंतजार करना अच्छी बात होगी। वहीं भाजपा नेताओं को विश्वास है की चुनाव बीजेपी उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ही जीतेंगी।  मध्यप्रदेश के गृहमंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने कहा बीजेपी सौ प्रतिशत चुनाव जीत रही है।  नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व सीएम कमलनाथ पर निशाना साधा और कहा कमलनाथ जी ने अपने विधायकों पर फॉर सेल यानी बिकाऊ  का टैग लगा दिया है।  उन्होंने कहा कमलनाथ जी अपने विधायकों पर संदेह न करें। प्रमाण दिखाएँ।  इंदिरा गांधी ने जिसे अंतरात्मा की आवाज कहा था। उसे आज क्रॉस वोटिंग कहें तो ज्यादा अच्छा होगा। क्रॉस वोटिंग यानी पार्टी लाइन से हटकर अपना वोट देना। अब वोट किस आधार पर दिया गया यह तो जनप्रतिनिधि मतदाता ही जाने। कांग्रेस के आरोप किस हद तक सही हैं। ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा। और अंतरात्मा की आवाज किसकी सुनी जाती है। ये भी भविष्य में ही छुपा है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 July 2022

पीएम मोदी ने किया बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन

  एक्सप्रेस-वे बुंदेलखंड की गौरवशाली परंपरा को समर्पित   देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  कानपुर होते हुए जालौन पहुंचे। जहां उन्होंने जालौन में बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन किया ।पीएम मोदी का  कानपुर में सीएम योगी आदित्यनाथ और अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने उनका स्वागत किया। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का उद्घाटन करने के बाद  पीएम मोदी ने कहा कि बुंदेलखंड के सभी भाई-बहनों को आधुनिक बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के लिए बहुत बहुत बधाई। ये एक्सप्रेस-वे बुंदेलखंड की गौरवशाली परंपरा को समर्पित है। उन्होंने कहा  जिस धरती ने अनगिनत शूरवीर पैदा किए, जहां के खून में भारत भक्ति बहती है, जहां के बेटे-बेटियों के पराक्रम और परिश्रम ने हमेशा देश का नाम रोशन किया है. उस बुंदेलखंड की धरती को आज एक्सप्रेसवे का उपहार देते हुए, उत्तर प्रदेश का सांसद होने के नाते मुझे बहुत खुशी हो रही है। PM मोदी ने कहा किबुंदेलखंड एक्सप्रेसवे से चित्रकूट से दिल्ली की दूरी तो 3-4 घंटे कम हुई ही है, लेकिन इसका लाभ इससे भी कहीं ज्यादा है। ये एक्सप्रेसवे यहां सिर्फ वाहनों को गति नहीं देगा, बल्कि ये पूरे बुंदेलखंड की औद्योगिक प्रगति को गति देगा। प्रधानमंत्री ने कहा आजादी के 75 वर्ष बाद देश को विकास का बेहतरीन मौका मिला है। इसे गंवाना नहीं है। इस काल खंड में उसे नई उंचाई पर पहुंचाना है, नया भारत बनाना है। नए भारत के सामने ऐसी चुनौती है, जिसपर अगर ध्यान नहीं दिया तो युवाओं का बहुत नुकसान हो सकता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि मुफ्त की रेवड़ी बांटकर वोट बटोरने की भरसक कोशिश हो रही है, ये रेवड़ी कल्चर से युवाओं को सावधान रहने की जरूरत है। रेवड़ी कल्चर वाले नए एक्सप्रेस वे, नए एयरपोर्ट या डिफेंस कॉरीडोर नहीं बनाएंगे। रेवड़ी कल्चर को देश की राजनीति से हटाना है। रेवड़ी कल्चर से अलग देश में रोड बनाकर नए रेल रूट बनाकर लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने का काम कर रहे हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 July 2022

ललित मोदी ट्वीट कर सुर्खियों में

  सुष्मिता सेन के साथ का किया ट्वीट    IPL यानी इंडियन प्रीमियर लीग  के पहले कमिश्नर और चेयरमैन रहे ललित मोदी  बार फिर सुर्खियों में हैं। ललित मोदी इससे पहले टैक्स चोरी को लेकर विवादों में आये थे।  लेकिन ललित मोदी ने  एक ट्वीट कर चौंकाने वाला खुलासा किया । अपने ट्वीट में मोदी ने लिखा है कि  परिवार के साथ मालदीव समेत दुनिया भर का टूर करने के बाद लंदन लौटा हूं। ये भी बता दूं कि 'बेटर हाफ' सुष्मिता सेन के साथ आखिरकार नई जिंदगी की शुरुआत शानदार रही है। इस ट्वीट के बाद उनकी सुष्मिता सेन से शादी की खबर चलने लगी। इसके जवाब में उन्होंने बताया कि अभी सिर्फ डेट कर रहा हूं। एक दिन शादी भी हो जाएगी। गौरतलब है  कि ललित मोदी ने साल 2008 से 2010 तक IPL के चेयरमैन के तौर पर IPL को आगे बढ़ाया। साल 2005 से 2010 तक BCCI के उपाध्यक्ष भी रहे। बाद में टैक्स चोरी, मनी लॉन्डरिंग के आरोपों के बाद उन्होंने साल 2010 में भारत छोड़ दिया। ललित मोदी को विदेश में पढ़ाई के दौरान अपनी मां की सहेली मीनल से मोहब्बत हो गई थी। जब मीनल की शादी होने वाली थी उससे पहले ललित मोदी ने उनको अपनी फीलिंग्स के बारे में बता दिया। आपको बता दें उम्र में 9 साल बड़ी मीनल  और ललित मोदी ने परिवारों की मर्जी के खिलाफ 17 अक्टूबर 1991 को शादी कर ली। साल 2018 में मीनल की मौत हो गई थी। और अब ललित मोदी एक बार फिर सुष्मिता सेन से रिस्ते जोड़ने की कोशिश में हैं।  और वे डेट कर रहे हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 July 2022

भारत में केरल से मंकीपॉक्स का पहला मामला

  संयुक्त अरब अमीरात से केरल लौटा था व्यक्ति  भारत में मंकीपॉक्स संक्रमण का पहला मामला सामने आया है। मंकी पॉक्स का पहला मामला केरल के कोल्लम से आया है। केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया, संयुक्त अरब अमीरात से केरल लौटे एक व्यक्ति में मंकीपॉक्स के लक्षण दिखे। यह व्यक्ति संयुक्त अरब अमीरात में मंकीपॉक्स से संक्रमित एक मरीज के संपर्क में था। उसके नमूने जांच के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी भेजे गए थे। सैंपल रिपोर्ट से मंकीपॉक्स की पुष्टि हुई है। मरीज को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इलाज जारी है। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ सहयोग करने के लिए एक उच्च स्तरीय टीम केरल भेजी है।  टीम राज्य के स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से जानकारी जुटाएगी। यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि यह दूसरों में न फैले। संक्रमित से  करीब 11 लोग संपर्क कर में आए हैं। इनमें उनके माता-पिता, जो विमान में उनके बगल में बैठे थे, उड़ान के केबिन क्रू सदस्य, टैक्स चालक जो उन्हें तिरुवनंतपुरम से कोल्लम ले गए, ऑटो चालक जो उन्हें अस्पताल ले गए शामिल हैं। सभी लोगों को सावधानी बरतने के लिए कहा गया है। गौरतलब है की  मंकीपॉक्स एक वायरल ज़ूनोसिस है। इसके लक्षण चेचक के समान होते हैं। हालांकि  चिकित्सकीय रूप से इसे कम गंभीर माना गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 July 2022

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कांवड़ यात्रा

  कट्टरपंथी तत्वों से खतरे की आशंका    15 जुलाई से सावन माह शुरू हो चुका है।  कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच  श्रावण माह के पहले दिन कांवड़ यात्रा शुरू हुई।  जिसमें भगवान शिव के भक्त बड़ी संख्या में गंगा का पानी लेने हरिद्वार पहुंचे।देश के अन्य राज्यों से भी कांवड़ यात्री पवित्र नदियों को जल लेकर शिवलिंग पर चढ़ाने के लिए निकले। अलग-अलग राज्यों में कांवड़ यात्रा मार्ग पर कई सुविधाओं के साथ सुरक्षा इंतजाम भी किए गए हैं। इस बीच  कांवड़ यात्रा शुरू होने के साथ ही गृह मंत्रालय  ने राज्य सरकारों को कट्टरपंथी तत्वों से खतरे की आशंका जताते हुए कांवड़ियों की सुरक्षा कड़ी करने का निर्देश दिया है। इंटेलिजेंस ब्यूरो के मिले इनपुट के आधार पर गृह मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और मध्य प्रदेश सहित कई राज्यों के लिए कांवड़ यात्रा के लिए सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ाने के लिए एक एडवाइजरी जारी की है।वहीं  केंद्र सरकार ने रेलवे बोर्ड को भी सावन माह में कांवड़ियों पर मंडराते खतरे को देखते हुए ट्रेनों की सुरक्षा कड़ी करने के निर्देश दिए गए हैं। गृह मंत्रालय ने अपनी एडवाइजरी में कहा है कि कांवड़ यात्रा के दौरान किसी भी तरह के खतरे से निपटने के लिए बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाना चाहिए। संदिग्ध व्यक्तियों की जांच की जानी चाहिए। आपको बता दें कोविड महामारी के बाद यह यात्रा शुरू की गई है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 July 2022

कांवड़ यात्रा  के लिए बंदोबस्त

  19 से 20 जुलाई से शुरू होगी यात्रा    कांवड़ यात्रा 19 से 20 जुलाई से शुरू होगी। कांवड़ यात्रा को लेकर दिल्ली पुलिस ने खास इंतजाम  किए हैं। कोरोना महामारी के कारण पिछले दो साल से कांवड़ यात्रा नहीं हुई थी। इस साल से दोबारा शुरू हो रही है। ऐसे में कांवड़ियों में काफी उत्साह है। पुलिस ने सुरक्षा और यातायात को लेकर व्यापक व्यवस्था की है। इस बार कांवड़ यात्रियों का पंजीकरण भी दिल्ली पुलिस द्वारा किया गया। यात्रा 26 जुलाई को पूरी हो जाएगी। ट्रैफिक पुलिस की एडिशनल सीपी गीता रानी वर्मा ने बताया कि सावन का महीना 14 जुलाई से शुरू हो रहा है। राजधानी में करीब 338 कांवड़ कैंप लेंगे। ये आंकड़ा बढ़ भी सकता है। लगभग दो हजार पुलिसकर्मी कांवड़ यात्रा के रूट और कैंप के पास तैनात रहेंगे। कांवड़ यात्रियों के लिए एक लेन सुरक्षित रखी जाएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 July 2022

उद्धव ठाकरे करेंगे द्रौपदी मुर्मू का समर्थन

  उद्धव ठाकरे ने समर्थन को लेकर  बैठक की   महाराष्ट्र में शिवसेना राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करेगी। उद्धव ठाकरे ने कैंडिडेट के समर्थन को लेकर  बैठक की थी। मीटिंग में शिवसेना सांसदों ने द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करने की मांग की थी। इसके अलावा मीटिंग में विपक्ष उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के नाम पर चर्चा हुई। शिवसेना सांसद संजय राउत ने  कहा, 'राष्ट्रपति पद के लिए द्रौपदी मुर्मू के नाम पर चर्चा हुई, लेकिन ये भाजपा का समर्थन नहीं है।' बता दें द्रौपदी मुर्मू आदिवासी समुदाय से आती हैं। महाराष्ट्र की लगभग 10 फीसदी आबादी आदिवासी है। यह फैक्टर उन्हें सपोर्ट की बड़ी वजह कहा जा रहा है। उद्धव ठाकरे ने कहा, 'यह देखते हुए कि आदिवासी महिला को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया गया है। हमने द्रौपदी मुर्मू को समर्थन देने का निर्णय लिया है। मुझे पता है कि इसके बाद राजनीति होगी, लेकिन इसमें कोई राजनीति हैं।' उन्होंने कहा कि हमने पहले भी यूपीए उम्मीदवार प्रतिभा पाटिल का समर्थन किया था। इस फैसले के लिए मुझ पर किसी प्रकार का दबाव नहीं था। यह फैलाया जा रहा है कि मेरे सांसदों ने मुझे पर दबाव डाला और मुझे फैसला लेना पड़ा। हमने इसमें कोई पॉलिटिकल एंगल तलाशा नहीं है। उद्धव ने कहा, 'राज्य के आदिवासी समुदाय की ओर से भी उन्हें पत्र लिखकर द्रौपदी मुर्मू को समर्थन करने का आग्रह किया गया था।' वहीं  संजय राउत ने कहा कि द्रौपदी मुर्मू का समर्थन का मतलब बीजेपी को समर्थन करना नहीं है। द्रौपदी मुर्मू एक आदिवासी महिला हैं। जनभावना भी उनके साथ है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 July 2022

श्रीलंका में प्रदर्शनकारी हुए हिंसक पीएम आवास की ओर बढ़े

  राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे के देश छोड़कर भागने से नाराज    श्रीलंका की स्थिति बेहद  खराब है।  IMF से बेल आउट पैकेज की राह देख रहे  परिवारवाद और फ्री की राजनीति के चलते श्रीलंका बर्बाद हो चूका है।  गृह युद्ध जारी है।  राष्ट्रपति गोटाभाया राजपक्षे भाग गए हैं।  इस बीच अब श्रीलंका में प्रदर्शनकारी और उत्तेजित हैं।  राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे के देश छोड़कर भागने से लोगों में एक बार फिर गुस्सा भड़क गया है। बुधवार सुबह जैसे ही खबर आई कि राष्ट्रपति ने अब तक इस्तीफा नहीं दिया है। वो पत्नी समेत मालदीव भाग गए हैं तो हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी कोलंबो में जुटने लगे। अब ये प्रधानमंत्री आवास की ओर बढ़ रहे हैं। आशंका जताई जा रही है है कि प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति भवन की तर्ज पर पीएम आवास पर भी कब्जा करना चाहते हैं। अभी श्रीलंका के प्रधानमंत्री कार्यकारी राष्ट्रपति होंगे और इसके साथ ही नई सरकार के गठन की कार्रवाई शुरू की जाएगी। अनाज और ईंधन की कमी से जूझ रहे श्रीलंका के लोगों को उम्मीद है कि नई सरकार के गठन के बाद हालाता सामान्य होंगे। भारतीय उच्चायोग ने इन मीडिया रिपोर्टों का खंडन करता है कि भारत ने श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे की हाल ही में श्रीलंका से बाहर की यात्रा के लिए सुविधाएं मुहैया की। कोलंबो स्थित भारतीय उच्चायोग ने इन खबरों का खंडन किया है। देश की राजधानी कोलंबो में एक बार फिर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी अब प्रधानमंत्री आवास की ओर बढ़ रहे हैं। श्रीलंका इमिग्रेशन एवं एमिग्रेशन आफिसर्स एसोसिएशन ने बताया कि अधिकारियों ने बासिल को वीआइपी टर्मिनल का इस्तेमाल करने देने से रोक दिया। दुबई जाने वाली अमीरात एयरलाइंस की उड़ान के यात्रियों ने भी बासिल के छोड़ने का विरोध किया। इसके चलते 71 वर्षीय राजपक्षे को एयरपोर्ट से वापस लौटना पड़ा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 July 2022

सरकार की दिल्ली और मुंबई के बीच इलेक्ट्रिक हाईवे बनाने की योजना

  गडकरी ने कहा इथेनॉल, मेथनॉल और ग्रीन हाइड्रोजन विकल्प जरूरी  अपने कामों से चर्चा के लिए मशहूर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने  कहा कि सरकार दिल्ली और मुंबई के बीच एक इलेक्ट्रिक हाईवे बनाने की योजना बना रही है। गडकरी ने  भारी वाहन मालिकों से प्रदूषण को रोकने के लिए इथेनॉल, मेथनॉल और ग्रीन हाइड्रोजन जैसे वैकल्पिक ईंधन का उपयोग करने का भी आग्रह किया। हाइड्रोलिक ट्रेलर ओनर्स एसोसिएशन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने कहा कि सरकार 2.5 लाख करोड़ रुपये की सुरंगों का निर्माण कर रही है। गडकरी ने कहा हमारी योजना दिल्ली से मुंबई तक इलेक्ट्रिक हाईवे बनाने की है। ट्रॉलीबस की तरह, आप ट्रॉली ट्रक भी चला सकते हैं। ट्रॉलीबस एक इलेक्ट्रिक बस है जो ओवरहेड तारों से बिजली खींचती है। एक इलेक्ट्रिक हाईवे आम तौर पर एक सड़क को इंगित करता है जो उस पर यात्रा करने वाले वाहनों को बिजली की आपूर्ति करता है, जिसमें ओवरहेड पावर लाइन भी शामिल है। मंत्रालय ने सभी जिलों को फोर-लेन सड़कों से जोड़ने का निर्णय लिया है। इससे पहले भी मंत्री नितिन गडकरी ने कहा था कि पांच साल में पेट्रोल डीजल ख़त्म हो जाएगा।  साफ़ तौर पर उनका कहना था कि हाइड्रोजन या बायो डीजल और सूर्य ऊर्जा पर गाड़ियों किनिर्भरता बढ़ाई जाएगी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 July 2022

18 जुलाई से संसद का मॉनसून सत्र

  मोदी सरकार ने सर्वदलीय बैठक बुलाई  18 जुलाई से संसद का मॉनसून सत्र शुरु होगा । इससे एक दिन पहले मोदी सरकार ने सर्वदलीय बैठक बुलाई । संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने रविवारबैठक के लिए संसद के दोनों सदनों में सभी राजनीतिक दलों के सदन के नेताओं को आमंत्रित किया।बताया जा रहा है  कि इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के अलावा सरकार के कई अन्य मंत्री भी शामिल होंगे। साथ ही बैठक में जेपी नड्डा, राजनाथ सिंह, प्रह्लाद जोशी, अनुप्रिया पटेल, पशुपति पारस, जेडीयू से ललन सिंह, असम गण परिषद से बीरेन वैश्य समेत एनडीए के सभी फ़्लोर लीडर हिस्सा लेंगे। इस सर्वदलीय बैठक में मॉनसून सत्र के दौरान संसद के एजेंडे पर सभी राजनीतिक दलों के साथ सहमति बनाने की कोशिश की जाएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 July 2022

पीएम नरेन्द्र मोदी झारखंड दौरे पर

  बाबा बैद्यनाथ का लिया आशीर्वाद    पीएम नरेन्द्र मोदी अपने झारखंड दौरे पर  है। जहां वे झारखंड देवघर पहुंचे हुए हैं।मोदी ने  बाबा बैद्यनाथ के मंदिर में दर्शन-पूजन किया।  जिसके  बाद पीएम मोदी ने कॉलेज मैदान एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि देवघर की पावन भूमि में आकर मैं अभिभूत हूं। मोदी ने  कहा कि पहले की सरकारों में योजनाओं की घोषणा होती थी, फिर एक दो सरकार जाने के बाद कोई आकर एक-दो पत्थर लगाकर जाता था। पत्थर लटकता रहता था, दो-चार सरकारें चलने के बाद कोई और आता, फिर वो ईंट लगाता था। पता नहीं कितनी सरकारें जाने के बाद वो योजना सामने दिखती थी। आज हम उस कार्य संस्कृति को लाए हैं, उस राजनीतिक संस्कृति को लाए हैं, उस गवर्नेंस के मॉडल को लाए हैं कि जिसका शिलान्यास हम करते हैं उसका उद्घाटन भी हम करते हैं। इस मौके पर  पीएम मोदी करीब दस किलोमीटर लंबा रोड शो करते हुए मंदिर पहुंचे। रोड शो के दौरान प्रधानमंत्री मोदी की एक झलक पाने लोग बड़ी संख्या में सड़कों में खड़े नजर आये। मोदी ने भी  सभी का अभिवादन स्वीकार किया।     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 July 2022

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या की मुसीबत बढ़ी

  करीब 317 करोड़ रुपए 4 हफ्ते में चुकाने के आदेश    भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या की मुसीबत कम नहीं हो रही है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने  एक आदेश ने भगोड़े  विजय माल्या को करीब 317 करोड़ रुपए 4 हफ्ते में चुकाने के लिए कहा है। आपको बता दें 9,000 करोड़ रुपये से ज्यादा के बैंक ऋण धोखाधड़ी के आरोपी और भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को अवमानना ​​के मामले में दोषी पाया है। सुप्रीम कोर्ट ने  विजय माल्या को 4 महीने की जेल के साथ 2000 रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि विजय माल्या को विदेश में ट्रांसफर किए गए 40 मिलियन डॉलर (करीब 317 करोड़ रुपए) को 4 हफ्ते में चुकाने होंगे । चार सप्ताह में यदि विजय माल्या सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन नहीं करते हैं तो उनकी सारी संपत्तियों को कुर्क किया जाएगा। अदालत की अवमानना के मामले में विजय माल्या को दोषी करार दिया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 July 2022

गोवा में 11 कांग्रेस विधायक ज्वाइन कर सकते हैं बीजेपी

  सोनिया गांधी ने मुकुल वासनिक को गोवा भेजा   महाराष्ट्र में उठापटक के बाद अब गोवा में भी कुछ इसी तरह के हालात बनते दिख रहे हैं। गोवा  में कांग्रेस टूट की राह पर है। कांग्रेस पार्टी का  उसके 11 विधायकों में पांच से संपर्क नहीं हो पा रहा है। कांग्रेस ने अपने दो विधायकों-माइकल लोबो और पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत पर भाजपा से मिलकर दलबदल के लिए साजिश रचने का आरोप लगाया है। टूट की आशंका को देखते हुए कांग्रेस डैमेज कंट्रोल में जुट गई है। गोवा के पार्टी प्रभारी दिनेश गुंडू राव ने मोर्चा संभाल लिया है। उन्होंने माइकल लोबो को विधानसभा में नेता विपक्ष के पद से हटा दिया है। गोवा विधानसभा के स्पीकर ने मंगलवार को होने वाला डिप्टी स्पीकर का चुनाव स्थगित कर दिया है। सोनिया गांधी ने मुकुल वासनिक को गोवा भेजा है। 40 विधायकों वाली  गोवा विधानसभा में फिलहाल कांग्रेस के 11 विधायक हैं। इनमें से कई कांग्रेस विधायकों के सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल होने की अफवाह उड़ने लगी। डैमेज कंट्रोल के लिए यहां पहुंचे दिनेश गुंडू राव ने मीडिया के समक्ष आरोप लगाया कि भाजपा उनकी पार्टी के दो तिहाई सदस्यों को तोड़ने की कोशिश कर रही है। इसके लिए विधायकों को भारी-भरकम रकम का लालच दिया जा रहा है। रकम इतनी बड़ी है कि मैं भी बहुत हैरान हूं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 July 2022

पीएम मोदी ने किया राष्ट्रीय प्रतीक अशोक स्तंभ का अनावरण

अशोक स्तंभ ऊंचाई 20 फीट से ज्यादा  है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार सुबह नए संसद भवन में बने 6.5 मीटर लंबे कांस्य के राष्ट्रीय प्रतीक अशोक स्तंभ का अनावरण किया। इस अवसर  पर शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी और लोकसभा के स्पीकर ओम बिरला समेत इस कार्य को सफलतापूर्वक पूरा करने वाले कर्मचारी भी मौजूद रहे । आपको बता दें यह अशोक स्तंभ 20 फीट से ज्यादा ऊंचा है। इस स्तंभ को क्रेन की मदद से नए संसद भवन के ऊपर स्थापित किया गया है।  मोदी सरकार की पहल पर दिल्ली में नया संसद भवन बनाया जा रहा है। मौजूदा संसद भवन करीब 93 साल पुराना है और इसमें कई कमियां हैं। नया संसद भवन आधुनिक सुविधाओं और सुरक्षा उपकरणों से लैस होगा। इसमें एक साथ 1224 सदस्य बैठ सकेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 दिसंबर 2020 को को नई इमारत का शिलान्यास किया था।  इस मौके पर पीएम मोदी ने कर्मचारियों से भी बात की। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 July 2022

देश में कम आ रहे कोरोना के केस

  17,776 नए केस कोरोना के दर्ज  देश में  रोजाना कोरोना के मामलों में कमी देखी जा रही है। शनिवार को 17,776 नए केस कोरोना के दर्ज किए गए। वहीं 41 संक्रमितों की मौत हो गई। पिछले दिन की तुलना में, 417 केस कम मिले। लेकिन  बीते दिन 14,260 संक्रमित ठीक हुए है। इधर, एक्टिव केस यानी इलाज करा रहे मरीजों की संखया बढ़कर 1 लाख 27 हजार 068 हो गई है। देश में 5 राज्य ऐसे है, जहां से सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे है। इनमें केरल, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, और कर्नाटक शामिल है। पश्चिम बंगाल में, नए संक्रमित लोगों में 1% की मामूली बढोतरी हुई है। तमिलनाडु में नए केस में 2 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई। कर्नाटक में नए संक्रमितो में 5% की कमी देखी गई।  महाराष्ट्र में नए केस में 10 प्रतिशत का उछाल देखा गया।  शनिवार को महाराष्ट्र में 6% की कमी दर्ज की गई। लेकिन कोरोना के शुरुआती दौर से अब-तक हुई मौत के आंकड़ो में, महाराष्ट्र सबसे आगे चल रहा है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 July 2022

श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे भी देंगे इस्तीफा

  गोटाबाया राजपक्षे 13 जुलाई को अपना पद छोड़ देंगे    श्रीलंका के प्रधानमंत्री के बाद अब राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे भी इस्तीफा देने जा रहे हैं। गोटाबाया राजपक्षे 13 जुलाई को अपना पद छोड़ देंगे। शनिवार की प्रदर्शन के बाद से गोटाबाया राजपक्षे लापता हैं।श्रीलंका की स्थिति और बिगड़ती जा रही है। श्रीलंका में विद्रोह बढ़ता जा रहा है।  प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति भवन में कब्ज़ा कर वहां जमकर उत्पात मचाया। आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका में हालात बेकाबू हो गए हैं।  हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी राजधानी कोलंबो पहुंचे और यहां जमकर उत्पात किया। प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे के सरकारी निवास पर कब्जा कर लिया। कोलंबो की सड़कों पर जमकर आगजनी की गई। प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री का सरकारी निवास फूंक दिया । हालात ये हैं की  राष्ट्रपति भवन के बाहर प्रदर्शनकारियों पर फायरिंग का वीडियो सामने आया है। खौफनाक वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि एक दीवार के दूसरी तरफ प्रदर्शनकारी हैं और सेना के जवान फायरिंग कर रहे हैं। पूर्व क्रिकेटर सनथ जयसूर्य प्रदर्शनकारियों का साथ दे रहे हैं।  इस मौके पर घटनाओं पर प्रतिक्रिया देते हुए जयसूर्या ने ट्वीट किया कि हम राजनीतिक रूप से प्रधानमंत्री के खिलाफ हो सकते हैं, लेकिन उनका घर जलाना सही नहीं है। कुछ असामाजिक तत्व देश का माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। लोग शांति बनाए रखें।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 July 2022

कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई की अमित शाह नड्डा से मुलाकात

  हरियाणा से कांग्रेस विधायक है बिश्नोई ज्वाइन कर सकते हैं बीजेपी  कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई ने दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। इस मौके पर उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से सोनिया गांधी और राहुल गांधी तस्वीरें हटा लीं। आपको बता दें कुलदीप बिश्नोई को कांग्रेस ने निष्कासित कर दिया है।  वे हरियाणा से कांग्रेस विधायक हैं।  कयास लगाए जा रहे हैं कि कुलदीप बिश्नोई जल्द ही भाजपा का दामन थाम लेंगे ।  बता दें, हरियाणा में साल 2024 में विधानसभा चुनाव होने हैं। भाजपा अभी से इसकी तैयारी में जुट गई है। कुलदीप बिश्नोईi अभी आदमपुर सीट से विधायक हैं। राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद कांग्रेस ने उन्हें सभी पदों से हटा दिया है। राज्यसभा चुनाव मेंकुलदीप बिश्नोई ने निर्दलीय कार्तिकेय शर्मा को वोट किया था।  शर्मा को  भाजपा ने समर्थन दिया था। इसी कारण कांग्रेस उम्मीदवार अजय माकन को हार का सामना करना पड़ा था। अमित शाह के मुलाकात  के बाद कुलदीप बिश्नोई ने फोटो ट्वीट की और लिखा, अमित शाह जी से मिलना एक वास्तविक सम्मान और खुशी की बात थी। एक सच्चे राजनेता, मैंने उनके साथ बातचीत में उनकी आभा और करिश्मा को महसूस किया। वहीं कुलदीप बिश्नोई ने जेपी नड्ढा से मुलाकात पर लिखा, मैं जेपी नड्ढा जी से मिलकर अति गर्वित हुआ। उनका सहज और विनम्र स्वभाव उन्हें औरों से मिलों अलग दिखाता है। उनकी सक्षम अध्यक्षता में भाजपा ने अभूतपूर्व ऊंचाइयों को देखा है।मैं उनके उत्तम स्वास्थ्य और दीर्घायु की कामना करता हूं। अब कयास लगाए जा रहे हैं कि कुलदीप बिश्नोई बीजेपी जीव कर सकते हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 July 2022

अगले आदेश तक अमरनाथ यात्रा स्थगित

  बादल फटने से 15 श्रद्धालुओं की हुई थी मौत   अमरनाथ यात्रा को अगले आदेश तक रोक दिया गया है।  आपको बता दें  श्री अमरनाथ की पवित्र गुफा के पास बादल फटने से 15 श्रद्धालुओं की मौत हो गई है।  ये हादसा शुक्रवार की शाम 05.25 के आसपास हुआ।  जब पवित्र गुफा के ऊपरी इलाके में बादल फटने से वहां बहने वाली एक नदी में अचानक बाढ़ आ गई। इस सैलाब में 2 लंगर और कई टेंट बह गये। जानकारी मिलते ही NDRF और SDRF की टीम मौके पर पहुंच गई और राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया गया। सेना की निगरानी में राहत एवं बचाव कार्य चल रहा है और घायलों को हेलिकॉप्टर से अस्पताल तक पहुंचाया जा रहा है। प्रशासन ने फिलहाल  यात्रा रोक दी है। श्रद्धालुओं को वापस पंचतरणी की ओर भेजा जा रहा है। इस हादसे पर पीएम मोदी ने अफसोस जताया है।वे लगातार इसकी जानकारी ले रहे हैं। उन्होंने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से बातचीत कर राहत एवं बचाव कार्यों का जायजा लिया। पीएम ने भरोसा दिलाया कि श्रद्धालुओं को सभी संभव मदद मुहैया कराई जाएगी। फिलहाल अभी अगले आदेश तक अमरनाथ यात्रा को रोका गया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 July 2022

जापान पूर्व पीएम की हत्या को अग्निपथ योजना से जोड़ा गया

  ममता बैनर्जी के इस बयान से सवालों के घेरे में आई ममता  जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की हत्या से पूरी दुनिया में शोक है । भारत ने भी इसका शोक मनाया है।  भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए तो यह व्यक्तिगत हानि है क्योंकि आबे से उनकी मित्रता वर्षों पुरानी थी। शिंजो आबे के  निधन पर भारत में यहां 9 जुलाई को राष्ट्रीय शोक रहा, ऐतिहासिक इमारतों पर तिरंगा झंडा आधा झूका रहा , लेकिन इसमें अब अजीबो गरीब बयान राजनेताओं के सामने आने लगे हैं।  ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस के मुखपत्र में जो कुछ लिखा गया, उसे लेकर ममता बैनर्जी पर ही अब लोगों ने सवाल खड़े कर दिए हैं।  दरअसल, टीएमसी के मुखपत्र में शिंज़ो आबे  की हत्या को भारत में केंद्र सरकार की अग्निपथ सेना भर्ती योजना से जोड़कर देखा गया। पार्टी के मुखपत्र 'जागो बांग्ला' के फ्रंट-पेज पर छपी स्टोरी टीएमसी ने कहा कि आबे की हत्या एक पूर्व जापानी रक्षा कर्मी ने की थी, जिसे पेंशन नहीं मिल रही थी। कुछ ऐसी ही बात कल कांग्रेस के एक नेता कही थी। ममता बैनर्जी और कांग्रेस के इस बयान की चरों तरफ अब आलोचना शुरू हो गई है।  चीन के साथ भारत में भी कुछ लोग शिंज़ो आबे के हत्यारों को जस्टीफाई करने में लगे हुए हैं। पूर्व पीएम की हत्या पर ऐसी राजनीति राजनैतिक स्तर का स्वरुप दिखा रहा है  ... 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 July 2022

श्रीलंका में राष्ट्रपति भवन में घुसे  प्रदर्शनकारी

  श्रीलंका-ऑस्ट्रेलिया के बीच क्रिकेट मैच में दखल  आर्थिक स्थिति के खराब दौर से गुजर रहे श्रीलंका की स्थिति सुधरती दिख नहीं रही।  लगातार प्रदर्शनकारी विरोध जता रहे हैं। आम जनता सड़कों पर है। शनिवार को भी यहां बड़ा प्रदर्शन हुआ। भारी संख्या में प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति भवन की और बढ़े और देखते ही देखते राष्ट्रपति भवन में घुस गए। राष्ट्रपति गोतबया राजपक्षे यहां से पहले ही फरार हो गए। यहां की सुरक्षा में सेना को लगाया गया है, लेकिन लोगों को गुस्सा देख सेना भी कुछ नहीं कर पा रही है। इसी दौरान प्रदर्शनदारी गाले क्रिकेट स्टेडियम में भी घुस गए। यहां श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के बीच क्रिकेट मैच खेला जा रहा है। इस तरह श्रीलंका को दुनिया में एक बार फिर शर्मसार होना पड़ रहा है। प्रदर्शनकारियों की मांग है कि राष्ट्रपति गोतबया राजपक्षे अपना इस्तीफा दें।  आर्थिक संकट हल किया जाए। श्रीलंका में यह संकट लंबे समय से चल रहा है और हर शनिवार तथा रविवार को भारी प्रदर्शन होते हैं। लोगों को यहां पेट्रोल और डीजल नहीं मिल रहा है। खाने-पीने की चीजों के दाम आसमान पर है। लोग भूख मरने को मजबूर है। लोगों का आरोप है की सरकार कुछ नहीं कर रही है। लोग लगातार राष्ट्रपति और सरकार में बैठे परिवार का इस्तीफ़ा मांग रहे हैं। हालाँकि पीएम पद से इस्तीफ़ा होने इ बाद भी प्रदर्शकारी राष्ट्रपति के इस्तीफे की मांग पर अड़े हैं।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 July 2022

पांच साल में ख़त्म हो जायेगा पेट्रोल

  केंद्रीय मंत्री नितिन गडगरी का दावा   भारत समेत पूरी दुनिया महंगाई की मार झेल रही है।  कारण है दुनिया में आयल कीमतों में बढ़ोतरी। देश में भी  महंगाई चरम पर है। आम आदमी की जेब ढीली हो रही है। ऐसे में केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बड़ा दावा करते हुए कहा  कि भारत में अगले 5 साल में पेट्रोल खत्म हो जाएगा।  इस पर बैन लगाया जा सकता है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी अकोला में डॉ. पंजाबराव देशमुख कृषि विश्वविद्यालय के 36 वें दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए थे। जहाँ उन्हें कृषि विश्वविद्यालय द्वारा 'डॉक्टर ऑफ साइंस' की उपाधि से सम्मानित किया गया । इस मौके पर नितिन गडकरी ने कहा कि विदर्भ में बने बायो-एथेनॉल का इस्तेमाल वाहनों में किया जा रहा है। ग्रीन हाइड्रोजन को कुएं के पानी से बनाया जा सकता है और 70 रुपए प्रति किलो में बेचा जा सकता है। 5 साल में खत्म हो जाएगा। गडकरी ने कहा कि आने वाले 5 साल में पेट्रोल खत्म हो जाएगा। ऐसे में कोई भी किसान केवल गेहूं, चावल, मक्का लगाकर अपना भविष्य नहीं बदल सकता। गडकरी ने कहा कि किसानों को केवल खाद्य प्रदाता नहीं बल्कि ऊर्जा प्रदाता भी बनना होगा। गडकरी ने कहा कि इथेनॉल पर एक फैसले से देश को 20,000 करोड़ रुपए की बचत हो रही है। आने वाले कुछ ही सालों में 2-व्हीलर और 4- व्हीलर ग्रीन अब हाइड्रोजन, इथेनॉल और CNG से चलने लगेंगे।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 July 2022

मो.जुबैर को अंतरिम जमानत ,एंकर रोहित रंजन को राहत

  मो.जुबैर को सुप्रीम कोर्ट ने सशर्त जमानत दी    अल्ट न्यूज वेबसाइट के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर की जमानत याचिका के मामले में सुप्रीम कोर्ट मामले में अंतरिम जमानत दे दी है। साथ ही इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली जुबैर की याचिका पर यूपी पुलिस को नोटिस भी जारी किया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने जुबैर को 5 दिनों के लिए अंतरिम ज़मानत इस शर्त पर दी कि वे मामले से संबंधित मुद्दे पर कोई नया ट्वीट पोस्ट नहीं करेंगे। सीतापुर मजिस्ट्रेट की अदालत के अधिकार क्षेत्र को नहीं छोड़ेंगे। वहीं दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट ने न्यूज एंकर रोहित रंजन को भी राहत दी है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के वीडियो को गलत संदर्भ में चलाने के लिए उनके खिलाफ दर्ज कई प्राथमिकी के संबंध में संबंधित अधिकारियों को उनके खिलाफ कोई कठोर कदम नहीं उठाने का निर्देश दिया गया है। आपको बता दें  राहुल गांधी के बयान को तोड़-मरोड़कर पेश करने और गलत वीडियो चलाने के मामले में 1FIR  छत्तीसगढ़ में भी दर्ज थी। जब छत्तीसगढ़ पुलिस गिरफ्तार करने के लिए गाजियाबाद पहुंची तो नोएडा पुलिस ने रंजन को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन बाद में जमानत पर रिहा कर दिया। इसके बाद इस मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस उन्हें गिरफ्तार करना चाहा लेकिन वे सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 July 2022

जापान के पूर्व पीएम को गोली मारी गई

शिंजे आबे की हालत नाजुक बताई जा रही  जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे पर हमला हुआ है। बताया जा रहा है कि  हमलावर ने एक कार्यक्रम के दौरान उनको गोली मारी है।  शिंजो आबे स्पीच दे रहे थे, तभी उनके सीने पर गोली मार दी गई । सूत्रों के मुताबिक पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया है। जापान के अधिकारियों का कहना है कि एयरलिफ्ट करते वक्त आबे के दिल की धड़कन की बंद थी और उनकी सांस नहीं चल रही थी। वहीं पुलिस ने हमलावर को गिरफ्तार कर लिया गया है। हमलावार  नारा शहर का रहने वाला है।  41 वर्षीय तेत्सुया यामागामी के तौर पर इसकी पहचान हुई है।  जो नौसैनिक बताया जा रहा है। जापान के अधिकारी उससे पूछताछ कर रहे हैं। शुरुआती जानकारी मिली है कि वह घटनास्थल पर पत्रकार बनकर आया था। जापान के प्रधानमंत्री किशिदा ने देश को संबोधित करते हुए कहा है कि शिंजो की हालत गंभीर है और उन्हें बचान के पूरी कोशिश की जा रही है।  किशिदा ने कहा कि शिंजो आबे पर ये हमला बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी हमलावरों के बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता। विस्तृत जानकारी सामने आने पर ही इस बारे में जानकारी दी जाएगी। इस बीच हमले की खबर सुनकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विट कर लिखा है कि मैं अपने प्रिय दोस्त शिंजो आबे पर हमले की खबर सुनकर काफी दुखी हूं। उन्होंने शिंजो आबे, उनके परिवार व जापान के नागरिकों के लिए प्रार्थना की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 July 2022

पीएम मोदी पहुंचे वाराणसी

  स्कूल के बच्चों से मुलाकात की    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। जहां  राष्ट्रीय शिक्षा समागम के कार्यक्रम को पीएम मोदी ने संबोधित किया। इससे पहले उन्होंने सरकारी स्कूल में जाकर बच्चों से मुलाकात की। इस दौरान बच्चे पीएम मोदी के पास खड़े नजर आए और अपने टैलेंट का प्रदर्शन किया। किसी ने शिव तांडव स्तोत्र का पाठ किया, तो किसी ने ढोल बजाकर अपनी प्रतिभा दिखाई। इस दौरान प्रधानमंत्री स्कूल टीचर के रोल में नजर आए। उनके सवाल पूछने पर बच्चे यस सर बोलते नजर आए। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र  मोदी ने कहा, 'आपको जो अच्छी योग मुद्रा आती है। वह करके दिखाओ।' इस पर बच्चे ने योग करके दिखाया। इसके अलावा एक स्टूडेंट ने ढोल बजाकर दिखाया। बच्चों की प्रतिभा देखकर प्रधानमंत्री अचंभित हो गए। उन्होंने कहा कि इन बच्चों के शिक्षकों से मिलना चाहूंगा। मोदी ने इस दौरान बच्चों से पूछा, 'क्या आप सफाई का ध्यान रखते हैं। इस पर बच्चे यस सर बोलते दिखे।' मोदी के इस दौरे से स्कूल के बच्चों में काफी उत्साह दिखा।  लोगों ने पीएम मोदी का अभिवादन किया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 July 2022

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री  बोरिस जॉनसन ने पद से इस्तीफा दिया

  सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी के सांसदों की बगावत के चलते इस्तीफ़ा  ब्रिटेन के प्रधानमंत्री  बोरिस जॉनसन ने पद से इस्तीफा दे दिया है। देश के नाम संबोधन में उन्होंने इसका ऐलान किया। प्रधानमंत्री  बोरिस जॉनसन ने कहा कि अब उनकी कंजरवेटिव पार्टी एक नए नेता और प्रधानमंत्री का चुनाव करेगी।लेकिन  तब तक वह पद पर बने रहेंगे। ब्रिटेन में सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी के सांसदों की बगावत के चलते प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को इस्तीफा देना पड़ा। बीते 48 घंटे में बोरिस जॉनसन कैबिनेट के करीब 40 मंत्री अपने पद से इस्तीफा दे चुके हैं। इस्तीफा देने वालों में कुछ संसदीय सचिव भी शामिल हैं। स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद और भारतीय मूल के वित्त मंत्री ऋषि सुनक के इस्तीफे के बाद शुरू हुआ इस्तीफे का सिलसिला लगातार चलता रहा है। कई  मंत्री इस्तीफा दे चुके हैं।  वित्तीय सेवा सचिव जॉन ग्लेन, सुरक्षा सचिव राचेल मैकलीन, निर्यात और समानता मंत्री माइक फ्रीर, आवास और समुदाय के जूनियर मंत्री नील ओ'ब्रायन और शिक्षा विभाग के जूनियर सचिव एलेक्स बरगर्ट सहित कई लोगों ने अभी तक इस्तीफा दे दिया है। मंत्रियों में गृह मंत्री प्रीति पटेल भी शामिल थीं, जो उनकी कट्टर समर्थक मानी जाती थीं। ऐसा माना जा रहा है कि 15 से अधिक मंत्रियों ने अगले चुनाव में कंजरवेटिव पार्टी की संभावनाओं को सुधारने के लिए नेतृत्व परिवर्तन पर जोर दिया था। इस बीच वित्त मंत्री के पद पर पहुंचे भारतीय मूल के ऋषि सुनक ने संकेत दिया है कि व अब राजनीति में कोई पद नहीं लेंगे। ऋषि ने पार्टी के पूर्व उप मुख्य सचेतक क्रिस पिंचर का नाम लिए बिना उन्हें एक महत्वपूर्ण पद पर नियुक्त करने के लिए प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन पर निशाना साधा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 July 2022

फिल्म काली का विवादित पोस्टर पब्लिसिटी स्टंट

लीना मणिमेकलई कई बार रहीं विवादों में इन दिनों फिल्म को प्रमोट करने का फिल्म निर्माताओं और फ़िल्मी हस्तियों ने नया ट्रेंड निकाल लिया है। जिसे मुफ्त की पब्लिसिटी कहना ज्यादा सार्थक होगा।  फिल्म निर्माण होने के बाद एक फोटो या दृश्य ऐसा डाला जाता है जिसे समाज स्वीकार नहीं करता।  और वहीं से शुरू होती है फिल्म की फ्री में पब्लिसिटी।   अब ऐसा ही कुछ करने में जुटी है लीना मणिमेकलाई। लीना मणिमेकलाई हमेशा अपने बोल वचनों से विवाद में रही हैं।  लीना मणिमेकलाई  फिल्म 'काली' का प्रमोशन फ्री में करने के लिए विवादित पोस्टर डाला। और वह विवाद अब थमता नजर नहीं आ रहा है।  कई प्रदेशों में इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।  वैसे लीना मणिमेकलाई को ये पता है कि हिन्दू भावनाओं को अगर ठेस पहुंचाया जाय तो फिल्म का प्रमोशन फ्री में सही ढंग से हो जायेगा।  ऐसा पहली बार नहीं है।  ये पहले के फिल्म निर्माताओं ने भी किया है।  फिर चाहे वो प्रकाश झा हो  या अन्य फिल्म निर्माता।  फिल्मकार लीना मणिमेकलई ने एक बार फिर सोशल मीडिया पर एक तस्वीर को शेयर कर विवाद खड़ा कर दिया है। लीना ने जो तस्वीर शेयर की है, उसमें शिव और पार्वती के वेश में 2 कलाकार सिगरेट पीते नजर आ रहे हैं। गौरतलब है कि विवादित पोस्टर को लेकर हंगामे के बाद लीना के खिलाफ कई राज्यों में FIR दर्ज की जा चुकी है। लीना ने अपने खिलाफ दर्ज मामलों को लेकर भी कहा है कि भारत सबसे बड़ा हेट मशीन बन गया है। देश को अपमानित करते हुए लीना ने कहा कि मुझे सेंसर करने की कोशिश की जा रही है और कहीं भी सुरक्षित महसूस नहीं कर रही हूं। लीना अपने कामों की वजह से कम और विवादों की वजह से ज्यादा चर्चा में रहना पसंद करती हैं।  ये पहली बार नहीं है कि  लीना मणिमेकलाई अपने बोल वचनों की वजह से चर्चा में है।  इससे पहले वे नरेंद्र मोदी के पीएम बनने से पहले भी सुर्खियां बटोर चुकी थी।  उन्होंने एक ट्वीट में कहा था की 'मैं कसम खाती हूं कि अगर मोदी मेरे जीवन में कभी भी भारत के प्रधानमंत्री बन जाते हैं तो मैं अपना पासपोर्ट, पैन कार्ड, राशन गाड़ी और अपनी नागरिकता सरेंडर कर दूंगी।' हालांकि उन्होंने खाई हुई कसम उसी तरह निभाई जिस तरह दिल्ली के मुख्यमंत्री बनने से पहले अरविंद केजरीवाल ने अपने बच्चों की कसम खाई थी। लीना ने भगवान राम को लेकर भी कुछ ट्वीट किए थे।  लीना मणिमेकलई का 2020 का एक ट्वीट भी वायरल हो रहा है, जिसमें लीना ने भगवान राम को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। लीना ने अपने ट्वीट में लिखा था कि 'राम भगवान नहीं हैं। वह केवल भारतीय जनता पार्टी की ओर से बनाई गई एक इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन है।बहरहाल लीना की ट्वीट का ट्विटर ने आपत्ति के बाद संज्ञान लिया।  ट्विटर जो मनमाने ढंग से पहले चीजों को बढ़ने देता है ,और हंगामे के बाद हटाता है।  जैसा इस  पोस्टर के बाद किया गया।  कनाडा के टोरंटो में आगा खान म्यूजियम में प्रदर्शित किया जाना था इस फिल्म को , लेकिन म्यूजियम ने अब कनाडा में भारतीय उच्चायोग की आपत्तियों के बाद फिल्म के प्रसारण पर रोक लगा दी है और लिखित में माफी भी मांग ली है।हिन्दू भावनाओं को भड़काकर फ्री में फिल्म की पब्लिसिटी का एक नायब तरीका निकाल लिया गया है। लेकिन समझ से ये परे है कि जब फिल्मे बनती हैं तब सेन्सर बोर्ड और फिल्म की निगरानी रखने वाले कहां गायब रहते हैं।  क्या वे भी फ्री में फिल्म के प्रमोशन को प्रमोट करते हैं। ऐसे पोस्टरों को लगाने की परमिशन कहाँ से मिल जाती है।  ट्विटर से लेकर सारे सोशल मीडिया में विवादित और हिन्दू विरोधी पोस्टर कैसे ख्याति पा जाते हैं।  विवाद के बाद पोस्टर तो हट जाते हैं लेकिन फ्री प्रमोशन के साथ कई सवाल छोड़ जाते हैं।  इतने में भी जब लीना का मन नहीं भरा तो उन्होंने भारत को ही कोसना शुरू कर दिया। जिसमें उन्होंने कहा भारत सबसे बड़ा हेट मशीन बन गया है।  अब सवाल समाज से भी है कि आखिर क्यों ये विवादित फिल्मे इतनी कमाई कर लेती है  ... क्या देश विरोधी  और भावनाओं को आहत पहुंचाने वालों की फिल्में देखना जरूरी है। क्या हम वकाय इन फिल्मों का बहिष्कार नहीं कर सकते  ... ताकि फिल्म इंडस्ट्री के दिग्गजों के गाल पर ये करारा तमाचा हो  ... जो हिन्दू सहित अन्य धर्मों की भावनाओं को भड़काकर या उनका  मजाक  बनाकर कमाई करते हैं  ...क्या यही हमेशा चलता रहेगा  ...  अब सही मायने में समाज को आगे आने की जरूरत है  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 July 2022

दिल्ली विधायकों के वेतन भत्ते में इजाफा

  वेतन बढ़ाने का विधेयक विधानसभा में पास हुआ    दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने अपने विधायकों के वेतन भत्ते में इजाफा कर दिया है। सरकार ने  विधानसभा के सदस्यों के वेतन-भत्तों में 66 फीसदी वृद्धि की है। दिल्ली विधानसभा में  मंत्रियों, विधायकों, मुख्य सचेतक, विधानसभा अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और विपक्ष के नेता के वेतन में वृद्धि से संबंधित पांच अलग-अलग विधेयक सदन में पेश किए गए।  सदस्यों ने उन्हें पारित किया।  उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली विधानसभा में विधायकों, मंत्रियों, स्पीकर और विपक्ष के नेताओं का वेतन बढ़ाने का विधेयक पास हुआ है। पिछले करीब 11 साल से दिल्ली के विधायकों को 12,000 रुपए वेतन मिलता था, जिसे बढ़ाकर एक बार 30,000 रुपए किया गया था। अब भत्ते सहित इस वेतन को 90,000 रुपए किया गया है। गौरतलब है कि  देश में दिल्ली के विधायकों की सबसे कम तनख्वाह है। दिल्‍ली विधानसभा के एक सदस्‍य को इस समय वेतन और भत्‍ते को मिलाकर कुल 54 हजार रुपये मिलते हैं जिसे बढ़ाकर 90 हजार रुपये कर दिया गया है। इसमें वेतन - 30 हजार रुपये, निर्वाचन भत्‍ता- 25 हजार रुपये, परिवहन/वाहन भत्‍ता- 10 हजार रुपये, टेलीफोन अलाउंस- 10 हजार रुपये और सचिवालय भत्ता- 15 हजार रुपये प्रति माह शामिल हैं। ये बिल अब अंतिम मंजूरी के लिए राष्‍ट्रपति के पास भेजे जाएंगे। मनीष सिसोदिया ने बताया कि इस मुद्दे पर पिछले 7 साल में कई बार चर्चा हुई है। केंद्र सरकार को इस पर कुछ आपत्ति थी और उन्होंने कुछ सुझाव दिए थे। हमने सुझावों को मानते हुए इसे पारित किया है। हमें उम्मीद है कि केंद्र सरकार इसको पास करेगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 July 2022

मुंबई और दिल्ली में बारिश का अलर्ट जारी

  भूस्खलन के खतरे के कारण अमरनाथ यात्रा रुकी    इधर एकनाथ सिंदे की महाराष्ट्र में सरकार बनी।  उधर  मौसम ने भी करवट बदल ली है।  मुंबई सहित कई शहरों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। तेज़ बारिश के बाद मुंबई के कई हिस्सों में सड़कों पर जलभराव देखा गया।   भारी बारिश के चलते मुंबई के सायन इलाके में जलजमाव हो गया है।  जिसके कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है।  भारी बारिश के कारण अमरनाथ यात्रा भी प्रभावित हुई है। भारी बारिश के कारण यहां कई मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं।  भूस्खलन के खतरे के कारण अमरनाथ यात्रा को अस्थायी तौर पर रोक दिया गया है। मौसम विभाग ने मुंबई समेत महाराष्ट्र के कई इलाकों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया  है। मुंबई के अंधेरी, सायन, चेंबूर और कुर्ला के कुछ इलाकों में जलजमाव की स्थिति पैदा हो गई है। मुंबई में रुक रुक कर तेज बारिश शुरू है। मुंबई में पिछले 12 घंटों में शहर में 95.81 mm जबकि पूर्वी उपनगर में 115.09 mm और पश्चिमी उपनगर में 116.73 mm बारिश दर्ज हुई है। राजधानी दिल्ली में भी भारी बारिश की आशंका के चलते येलो अलर्ट जारी किया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने मंगलवार के लिए येलो अलर्ट और बुधवार के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 July 2022

नूपुर शर्मा को मारने का विवादित वीडियो

  वीडियो के आधार पर खादिम पर केस दर्ज    नूपूर शर्मा के विवादित बयान के बाद नूपुर शर्मा को भाजपा ने निकलंबित कर दिया।  लेकिन विवाद थमता दिख नहीं रहा है।  विवादित बयान के बाद नूपुर शर्मा को जान से मारने की धमकियाँ मिल रही हैं।  बयानों के लेकर मुस्लिम धर्मगुरु व दरगाह के खादिम भी आपत्तिजनक बयान दे रहे हैं। हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह का एक खादिम ने सभी हदें पार करते हुए कहा है कि जो भी नुपुर शर्मा की गर्दन लेकर आएगा, उसे अपना मकान सौंप देगा। खादिम का बयान सामने आने के बाद अजमेर पुलिस ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो को आधार बनाकर केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने बताया है कि वीडियो जारी करने वाला फरार है और उसकी तलाश की जा रही है। वीडियो बनाते समय खादिम सलमान नशे में था। गौरतलब है  कि उदयपुर में नूपुर शर्मा के समर्थन में डाली गई पोस्ट के बाद कन्हैया लाल टेलर की हत्या कर दी गई थी। जिसपर राजस्थान सरकार पर भी सवाल खड़े किये गए। वहीं अब  अजमेर दरगाह के खादिम का एक वीडिया इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा। इस वीडियो में दरगाह का खादिम जहर उगलते हुए कह रहा है कि कि नूपुर शर्मा को गोली मारने की बात कह रहा है।  खादिम दरगाह थाने का हिस्ट्रीशीटर भी है, जिस पर कई मामले दर्ज हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 July 2022

पीएम मोदी ने किया अल्लुरी सीतराम की प्रतिमा का अनावरण

  अल्लूरी सीताराम की जन्मजयंती ,रम्पा क्रांति की वर्षगांठ मनाया    पीएम नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के भीमावरम का दौरा किया। पीएम मोदी ने स्वतंत्रता सेनानी अल्लुरी सीतराम राजू की 125वीं जयंती समारोह में भाग लिया। यहां उन्होंने कांस्य की बनी उनकी प्रतिमा का अनावरण किया। इस दौरान स्वतंत्रता सेनानी अल्लुरी सीतराम राजू के परिवार से मिले। वहीं पीएम मोदी ने राजू की 90 वर्षीय बहन के पैर छूए। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा देश आज आजादी के 75 वर्ष का अमृत महोत्सव मना रहा है।  वहीं अल्लुरी सीताराम राजू  की 125वीं जयंती भी है। संयोग से इसी समय देश की आजादी के लिए हुए रम्पा क्रांति के 100 साल भी पूरे हो रहे हैं। मैं आंध्र की इस धरती की महान आदिवासी परंपरा को, इस परंपरा से जन्में सभी महान क्रांतिकारियों और बलिदानियों को भी आदरपूर्वक नमन करता हूं। अल्लूरी सीताराम राजू गारू की 125वीं जन्मजयंती और रम्पा क्रांति की 100वीं वर्षगांठ को पूरे वर्ष सेलिब्रेट किया जाएगा। पंडरंगी में उनके जन्मस्थान का जीर्णोद्धार, चिंतापल्ली थाने का जीर्णोद्धार, मोगल्लू में अल्लूरी ध्यान मंदिर का निर्माण, ये कार्य हमारी अमृत भावना के प्रतीक हैं। अल्लुरी सीताराम राजू गारू भारत की सांस्कृतिक और आदिवासी पहचान, भारत के शौर्य, आदर्शों और मूल्यों के प्रतीक हैं। सीताराम राजू गारू के जन्म से लेकर उनके बलिदान तक, उनकी जीवन यात्रा हम सभी के लिए प्रेरणा है। उन्होंने अपना जीवन आदिवासी समाज के अधिकारों के लिए, उनके सुख-दुःख के लिए और देश की आज़ादी के लिए अर्पित कर दिया। भारत के आध्यात्म ने सीताराम राजू गारू को करुणा और सत्य का बौद्ध दिया। आदिवासी समाज के लिए समभाव और मम्भाव दिया, त्याग और साहस दिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 July 2022

कुल्लू में हुआ एक बड़ा सड़क हादसा

  12 लोगों की मौत ,रेस्क्यू अभियान जारी  हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में एक बड़ा सड़क हादसा हो गया। कुल्लू में बस के खाई में गिरने के कारण 12 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई । जानकारी के मुताबिक खाई में स्कूल बस गिर गई। जिससे मरने वालों में कुछ बच्चे भी शामिल है। बताया जा रहा है की नियोली-शानशेर मार्ग पर सैंज घाटी के जांगला इलाके में एक निजी बस के चट्टान से गिरने से 12 लोगों की मृत्यु हो गई। घायलों को स्थानीय अस्पतालों में ले जाया जा रहा है। कुल्लू की टीमें मौके पर पहुंची। जहां उन्होंने कहा कि स्कूल बस कुल्लू से सैंज जा रही थी। मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। वहीं अभी भी रेस्क्यू अभियान जारी है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 July 2022

कुल्लू में हुआ एक बड़ा सड़क हादसा

  12 लोगों की मौत ,रेस्क्यू अभियान जारी  हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में एक बड़ा सड़क हादसा हो गया। कुल्लू में बस के खाई में गिरने के कारण 12 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई । जानकारी के मुताबिक खाई में स्कूल बस गिर गई। जिससे मरने वालों में कुछ बच्चे भी शामिल है। बताया जा रहा है की नियोली-शानशेर मार्ग पर सैंज घाटी के जांगला इलाके में एक निजी बस के चट्टान से गिरने से 12 लोगों की मृत्यु हो गई। घायलों को स्थानीय अस्पतालों में ले जाया जा रहा है। कुल्लू की टीमें मौके पर पहुंची। जहां उन्होंने कहा कि स्कूल बस कुल्लू से सैंज जा रही थी। मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। वहीं अभी भी रेस्क्यू अभियान जारी है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 July 2022

एकनाथ शिंदे ने हासिल किया बहुमत

  शिंदे के  पक्ष में 164 विधायकों के वोट    महाराष्ट्र में कई दिनों तक चले राजनीतिक उठापटक के बीच अब नै खबर है। एकनाथ शिंदे सरकार ने विधानसभा में बहुमत हासिल कर लिया है। शिंदे के  पक्ष में 164 विधायकों ने वोट किया। वहीं विपक्ष में 99 वोट ही पड़े। 3 सदस्य तटस्थ रहे। वहीं  22 सदस्य गैर-मौजूद रहे। एक बार फिर शिवसेना का एक और विधायक सत्ता पक्ष की ओर आ गया।  स्पीकर के चयन के समय शिंदे गुट को 164 वोट मिले थे। आज भी 164 मिले। आज स्पीकर राहुल नार्वेकर का वोट शामिल नहीं रहा। इससे पहले भाजपा की ओर से प्रस्ताव रखा गया, जिस पर विपक्ष ने वोटिंग की मांग की। जैसे ही सत्ता पक्ष के विधायकों की गिनती 144 पहुंची, साफ हो गया कि शिंदे महाराष्ट्र के मुख्मयंत्री बने रहेंगे। इस बीच, उद्धव ठाकरे को एक और झटका लगा है। अब तक उद्धव के साथ रहे शिवसेना विधायक संतोष बांगर भी शिंदे गुट में शामिल हो गए हैं। विधानसभा में उन्होंने सरकार के पक्ष में वोट किया। महाविकास आघाड़ी के 8 विधायक देरी से पहुंचने के कारण वोट नहीं कर सके। इनमें 7 विधायक कांग्रेस के रहे। वोटिंग में अशोक चव्हाण समेत कांग्रेस के कई बड़े नेता वोटिंग में हिस्सा नहीं ले सके। वे विधानसभा देरी से पहुंचे और तब तक दरवाजे बंद कर दिए गए थे। कुल मिलाकर महाविकास आघाड़ी के 8 विधायक वोटिंग में हिस्सा नहीं ले सके। इनमें कांग्रेस के 7 और एक एनसीपी के विधायक हैं। विधासनभा में कांग्रेस के कुल 44 विधायक हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 July 2022

भाजपा में शामिल होने का निमंत्रण अरुण ने ठुकराया

  अरुण यादव ने कहा कांग्रेस सरकार के साथ आएगी  सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को खंडवा में पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव को भाजपा में आने का निमंत्रण दिया। जिसपर उन्होंने  पलटवार किया है। आर्यन यादव ने कहा कि हम सत्ता में जरूर आंएगे पर भाजपा के साथ नहीं कांग्रेस की सरकार बनाकर आएंगे। कांग्रेस ने मुझे औश्र मेरे परिवार को बिना मांगे ही बहुत कुछ दिया है। आपने कांग्रेस के एक छोटे से कार्यकर्ता को सत्ता में आमंत्रित किया, उसके लिए धन्यवाद। प्रदेश कांग्रेस द्वारा यादव की ओर से बयान जारी कर कहा कि हम सत्ता में कमल नाथ के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार बनाकर आएंगे। कांग्रेस हमारे लिए मां है। इसने मेरे पिता को विधायक, सांसद, मंत्री, उप मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जैसे पदों पर सुशोभित किया। मुझे सांसद, केंद्रीय मंत्री, पार्टी का राष्ट्रीय सचिव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सहित महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां दीं। छोटे भाई सचिन याव को विधायक और मंत्री बनाया। अपने राजनीतिक और व्यावसायिक हितों के लिए पार्टी से धोखा की सोच हमारे परिवार की नहीं है। अरुण यादव ने भाजपा के निमंत्रण को साफ़ तौर पर इंकार कर दिया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 June 2022

उद्धव ठाकरे ने हिंदुत्व कार्ड चला

  औरंगाबाद ,उस्मानाबाद के नाम बदले  महाराष्ट्र में राजनीतिक  जारी है। पूर्व सीएम  उद्धव ठाकरे ने अब हिंदुत्व कार्ड चल दिया है। उद्धव ठाकरे ने सीएम रहते औरंगाबाद और उस्मानाबाद के नाम बदलने को मंजूदी दी है। अब औरंगाबाद को संभाजी नगर और उस्मानाबाद को धाराशिव के नाम से जाना जाएगा। औरंगाबाद का नाम बदलने की मांग शिवसेना लंबे वक्त से करती आ रही थी। पार्टी नेता और सीएम ठाकरे कई बाद औरंगाबाद को संभाजी नगर कहकर संबोधित कर चुके हैं। वहीं उस्मानाबाद का नाम धाराशिव की मांग भी शिवसेना की थी। उद्धव ने  मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का नामकरण किसान नेता दिवंगत डीबी पाटिल के नाम पर रखने को मंजूरी दी गई। बता दें प्रदेश की योजना एजेंसी CIDCO ने हवाई अड्डे का नाम शिवसेना के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे के नाम पर रखने का प्रस्ताव रखा था। वहीं महाराष्ट्र में सपा विधायक अबू आसिम आजमी ने उद्धव सरकार के फैसला पर असहमति जताई है। उन्होंने कहा कि भाजपा हो या एमवीए जो बैसाखी पर चल रहा है। मुसलमानों को दरकिनार करना चाहता है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 June 2022

कन्हैयालाल की हत्या  मामले में NIA की जांच शुरू

  सीएम गहलोत के बयान में दिखी असमानताएं  राजस्थान में उदयपुर के कन्हैयालाल की निर्मम हत्या के मामले में एनआईए की जांच शुरू हो गई है। दोनों हत्यारों रियाज अहमद और गौस मोहम्मद के बारे में पता किया गया।  बताया जा रहा है कि राजस्थान के 8 जिलों में ISIS के लिए स्लीपर सेल तैयार करने में जुटे थे। उदयपुर, भीलवाड़ा, अजमेर, राजसमंद, टोंक, बूंदी, बांसवाड़ा,जोधपुर जिलों में धर्म के नाम पर दोनों आरोपी युवाओं का ब्रेनवॉश कर रहे थे। अरब देशों से इन्हें फंडिंग भी मिल रही थी। साथ ही इस बात का भी खुलासा हुआ है कि कन्हैया लाल को जिस हथियार से मारा गया था, वह हथियार भी दोनों ने खुद बनाया था। कन्हैया को मारते समय भी दोनों ने जहर उगलते हुए कहा था कि तुम काफिर हो। सऊदी अरब में वे सलमान और अबू इब्राहिम के लगातार सम्पर्क में थे, जो दावते-ए-इस्लाम संगठन से जुड़े थे। टेलर कन्हैया लाल की नृशंस हत्या के बाद तनाव बना हुआ है। इस  बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उदयपुर पहुंचकर पीड़ित परिवार के लोगों से मुलाकात की। पीड़ित परिवार ने कन्हैयालाल की निर्मम हत्या पर आक्रोश व्यक्त करते हुए  कार्रवाई की मांग की। वहीं पुलिस प्रशासन की लापरवाही की भी शिकायत की।  परिवार की शिकायत के बाद सीएम गहलोत ने इसे पुलिस की नाकामी बताया। लेकिन गहलोत बाहर निकलकर मीडिया के कहा कि इस मामले में पुलिस ने अच्छा काम किया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का दोहरा चरित्र सामने आने के बाद अब लोगों के निशाने में भी वे आ गए हैं।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 June 2022

शिंदे बनेंगे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री

  आज शाम मुख्यमंत्री पद की लेंगे शपथ    महाराष्ट्र में राजनीतिक उथल पुथल के बाद सीएम उद्धव ठाकरे ने इस्तीफ़ा दे दिया।  अब नई सरकार के गठन का रास्ता साफ हो गया है। राज्यपाल से मुलाकात के बाद देवेन्द्र फडणवीस ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि आज शाम एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। बीजेपी उन्हें पूरा समर्थन देगी। फडणवीस ने साफ कहा कि वो सरकार में शामिल नहीं होंगे।  नये लोगों को मौका दिया जाएगा। राज्यपाल से मुलाकात के बाद देवेन्द्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे ने संयुक्त रुप से प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया और इस बात का ऐलान किया। इस मौके पर देवेन्द्र फडणवीस ने उद्धव ठाकरे सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया और कहा कि सीएम ने दाउद ग्रुप से जुड़े मंत्री को पद से नहीं हटाया। उन्होंने कहा कि हम एकनाथ शिंदे को पूरा समर्थन देंगे और वही मुख्यमंत्री बनेंगे। देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की। दोनों नेताओं ने इस मुलाकात में राज्य में सरकार गठन का दावा पेश किया। भाजपा के पास कुल 106 विधायक हैं।  जबकि एकनाथ शिंदे ने भी शिवसेना के बागियों और निर्दलीय विधायकों समेत कुल 49 सदस्यों के समर्थन का दावा किया है। इससे पहले एकनाथ शिंदे गोवा से मुंबई पहुंचे और फिर देवेन्द्र फडणवीस के घर पहुंचे।जहां इन्होने सरकार बनाने पर चर्चा की। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 June 2022

उदयपुर की घटना के बाद गहलोत सरकार पर गुस्सा

  अंतिम यात्रा में 'कन्हैयालाल अमर रहे' के नारे लगे उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या की सब जगह आलोचना की जा रही है। घटना के बाद गहलोत सरकार और कांग्रेस पर निशाना साधा जा रहा है। पूरा मामला साम्प्रदायिक है, क्योंकि कन्हैयालाल ने नूपुर शर्मा के बयान का समर्थन किया था और उसके बदले में रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद ने पहले धमकी दी और अब हत्या कर दी। दोनों आरोपियों को वारदात के कुछ घंटों बाद ही गिरफ्तार कर लिया गया था। घटना के बाद पूरे राजस्थान में धारा 144 है। उदयपुर और आसपास के जिलों में इंटरनेट बंद है। उदयपुर के 7 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू है। केंद्र सरकार ने एनआईए को जांच सौप दी है। वहीं कन्हैयालाल अमर रहे के साथ कन्हैयालाल की अंतिम यात्रा निकाली गई।   अंतिम यात्रा में 'कन्हैयालाल अमर रहे' के नारे लगे। लोगों में प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ गुस्सा नजर आया। इससे पहले अंतिम संस्कार को लेकर पुलिस और परिजन के बीच विवाद हुआ। पुलिस का कहना था कि अंतिम संस्कार घर के पास ही कर दिया जाए, जबकि परिवार और समाज के लोग श्मशान में अंतिम संस्कार की मांग पर अड़ गए। बाद में पुलिस ने श्मशान घाट पर अंत्येष्टी की मंजूरी दे दी।बताया जा रहा है कि  मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद का संबंध 'दावत-ए-इस्लामी' नाम के संगठन से रहा है। अब इस संगठन के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। हत्या के बाद दोनों आरोपी अजमेर दरगाह जियारत के लिए जाने वाले थे। घटना के बाद गहलोत सरकार और कांग्रेस नेता राहुल गाँधी और प्रियंका वाड्रा भी ट्रोल हो रही है।  लोगों ने सोशल मीडिया में ट्रोल करते कि क्या राहुल और प्रियंका अब उदयपुर उस दरिदंगी के खिलाफ अनसन करेंगी और धरना देंगी।  वहीं मध्यप्रदेश के गृह मंत्री  डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने कहा राजस्थान का गहलोत सरकार तालिबानीकरण कर रही है।  राजस्थान वीरों की भूमि रही है।  बंगाल कश्मीर केरल के बाद अब राजस्थान को गहलोत सरकार तालिबानीकरण करने में लगी हुई है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 June 2022

संजय राऊत को ED ने दिया समन

  पात्रा चॉल भूमि घोटाला मामला    शिवसेना नेता संजय राउत अब एक नई मुसीबत में फंस गए हैं। पात्रा गोरेगांव चॉल घोटाले के मामले में अब ईडी ने संजय राउत को समन भेजा है। राउत को ED ने मंगलवार पेश होने के लिए कहा है। प्रवीण राउत और पात्रा चॉल भूमि घोटाला मामले में शिवसेना सांसद को ईडी ने मंगलवार को तलब किया है। संजय राउत को ED के समन पर प्रतिक्रिया देते हुए शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि भाजपा से परम भक्ति का सबसे बड़ा उदाहरण ED ने पेश किया है।  प्रवर्तन निदेशालय ने अप्रैल माह में शिवसेना के नेता संजय राउत के खिलाफ पात्रा चाल भूमि घोटाला मामले में 1,034 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क की थी। इस कार्रवाई के तहत जांच एजेंसी ने राउत के अलीबाग प्लॉट और दादर में एक फ्लैट को कुर्क किया था। पात्रा चॉल मुंबई के गोरेगांव में स्थित है। इस घोटाले की शुरुआत तब हुई, जब महाराष्ट्र सरकार ने चॉल में रहने वाले 672 किरायेदारों को फ्लैट देने की सरकारी योजना बनाई और HDIL की कंपनी गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन को महाराष्ट्र हाउसिंग एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ने किरायेदारों के लिए फ्लैट बनाने का ठेका दिया था। गुरु आशीष कंपनी को 672 फ्लैट चॉल के किराएदारों को देकर 3000 फ्लैट MHDA को हैंडओवर करने थे। चॉल की 47 एकड़ जमीन पर ये फ्लैट बनने थे, लेकिन गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन ने न तो चॉल के लोगों के लिए फ्लैट बनाए और न ही एमएचडीए को कोई फ्लैट सौंपा। कंपनी ने 47 एकड़ जमीन 8 अन्य बिल्डरों को 1,034 करोड़ रुपए में बेच दी। इस जमीन घोटाले में एचडीआईएल कंपनी ने जो घोटाले किए उसके डायरेक्टर प्रवीण राउत, सारंग वधावन, राकेश वधावन हैं। प्रवीण राउत संजय राउत के मित्र हैं और ईडी की जांच में उनका नाम सामने आया। प्रवीण की पत्नी ने संजय राउत की पत्नी वर्षा को 83 लाख रुपये का कर्ज भी दिया था, जिसका इस्तेमाल संजय राउत ने दादर में एक फ्लैट खरीदने के लिए किया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 June 2022

महाराष्ट्र में सियासी उठापटक अभी भी जारी

  नेता विपक्ष प्रवीण दरेकर ने राज्यपाल से की शिकायत    महाराष्ट्र में सियासी उठापटक अभी भी जारी है।  महाराष्ट्र विधानसभा में नेता विपक्ष प्रवीण दरेकर ने चिट्ठी लिखकर उद्धव सरकार की शिकायत राज्यपाल  भगत सिंह कोश्यानी  से की। आरोप लगाया गया कि उद्धव सरकार ने अल्पमत में होने के बाद भी 'अंधाधुंध' फैसले किए और सैंकड़ों करोड़ रुपये जारी करने का आदेश दिया। इस पर एक्शन लेते हुए राज्यपाल ने राज्य के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर 22-24 जून तक राज्य सरकार द्वारा जारी सभी सरकारी प्रस्तावों और परिपत्रों की पूरी जानकारी देने के लिए कहा है।उधर  बागी विधायकों को अयोग्यता के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिलने के बाद अब एकनाथ शिंदे गुट सरकार गठन की दिशा में आगे बढ़ने जा रहा है। शिंदे गुट जल्द ही राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी से मिलकर फ्लोर टेस्ट की मांग करेगा। शिंदे गुट भाजपा में शामिल नहीं होगा, ना ही नई पार्टी बनाएगा, बल्कि असली शिवसेना होने का दावा करेगा। ताजा खबर यह भी है कि उद्धव ठाकरे गुट का एक और विधायक टूटकर गुवाहाटी पहुंच रहा है जहां सभी बागी विधायक ठहरे हैं। शिंदे के मुंबई लौटने के बाद ही कुछ क्लियर स्थिति बनेगी। हालांकि अभी भी सियासी हलचल तेज है।  अब इंतज़ार है तो आगे आने वाले समय का।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 June 2022

G-7 देशो के शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी पहुंचे

  सभी देशों के प्रमुखों को दिया देशी गिफ्ट   जर्मनी में आयोजित G-7 देशो के शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिस्सा लिया। मोदी ने अमरिका, ब्रिटेन समेत कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान के राष्ट्र प्रमुखों के साथ बात की। इस दौरान एक वीडियो भी जमकर वायरल हो रहा है जिसमे  अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन, पीएम मोदी को देखर उनकी ओर आते हैं और मिलते हैं। इस शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री ने सभी राष्ट्र प्रमुखों को भारत को दुनिया में पहचान दिलाने वाली अनूठी चीजें गिफ्ट की। इनमें रामायण थीम वाली डोकरा कला, टेबल टॉप, टी सेट और जरी जरदोजी बॉक्स भी शामिल हैं। मोदी ने कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो को कश्मीर में बना हाथ से बुना हुआ रेशमी कालीन उपहार में दिया। हाथ से बुने हुए रेशमी कालीन अपनी कोमलता के लिए पूरी दुनिया में प्रसिद्ध हैं। एक कश्मीरी रेशम कालीन अपनी सुंदरता, पूर्णता, रसीलापन, विलासिता और समर्पित शिल्प कौशल के लिए जाना जाता है। जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज़ो को मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश में बना मेटल मरोडी नक्काशी वाला मटका उपहार में पीएम मोदी ने दिया। यह पीतल का बर्तन जिला मुरादाबाद से एक उत्कृष्ट कृति है, जिसे भारत के उत्तर प्रदेश के पीतल नगरी या 'पीतल शहर' के रूप में भी जाना जाता है। मोदी ने सेनेगल के राष्ट्रपति मैकी सल्लू को यूपी के सीतापुर से मूंज की टोकरियां और कपास की दरियां भेंट कीं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 June 2022

सीएम योगी के हेलीकाप्टर की इमर्जेन्सी लैंडिंग

  पक्षी से टकराया  था हेलीकाप्टर  उत्तर प्रदेश के सीएम  योगी आदित्यनाथ के हेलिकॉप्टर की  इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी।  सीएम योगी वाराणसी से लखनऊ जा रहे थे, इसी दौरान हेलिकॉप्टर से पक्षी के टकरा गया। जिसकी वजह से  पायलट ने एहतियात के तौर पर हेलिकॉक्टर की इमरजेंसी लैंडिंग कराई। योगी आदित्यनाथ सहित हेलिकॉप्टर में मौजूद पूरा क्रू स्टॉफ पूरी तरह से सुरक्षित है। हेलिकॉप्टर की सुरक्षित लैंडिग के बाद जांच जारी है। पीएम मोदी के वाराणसी दौरे से पहले तैयारियों का जायजा लेने के लिए योगी आदित्यनाथ वाराणसी गए थे। उनका हेलीकॉप्टर पुलिस लाइन से सुल्तानपुर के लिए रवाना हुआ था, लेकिन चिड़िया से टकराने के बाद पुलिस लाइन में ही उसकी इमरजेंसी लैंडिंग कर दी गई। अब हेलीकॉप्टर की तकनीकी जांच की जा रही है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 June 2022

त्रिपुरा विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी को तीन सीट

बीजेपी ने जीत का मनाया जश्न     त्रिपुरा विधानसभा उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी  ने तीन सीटों पर जीत दर्ज की है। चार में से तीन सीटों पर बीजेपी का कब्ज़ा है। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री और भाजपा नेता माणिक साहा ने टाउन बारदोवाली सीट से 6,104 मतों के अंतर से जीत हासिल की है। प्रतिष्ठित अगरतला सीट से कांग्रेस उम्मीदवार सुदीप रॉय बर्मन ने 3,163 मतों से जीत हासिल की। वहीं भाजपा ने टाउन बोरदोवाली, जुबराजनगर और सूरमा सीटों पर जीत दर्ज की।  तत्कालीन सीएम बिप्लब देब के अचानक इस्तीफे के बाद राज्यसभा सांसद माणिक साहा को पिछले महीने राज्य का मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया था। मुख्यमंत्री बने रहने के लिए उन्हें यह उपचुनाव जीतना था। नियमानुसार विधानसभा के लिए चुने जाने के बाद अब वह सांसद पद से इस्तीफा देंगे। आशीष कुमार साहा के भाजपा विधायक के रूप में इस्तीफा देने और फरवरी में कांग्रेस में शामिल होने के बाद टाउन बारदोवाली सीट पर उपचुनाव हुआ था। सीएम माणिक साहा की जीत के बाद कार्यकर्ताओं के साथ जश्न मनाया और जीत दी बधाई दी। माणिक साहा को पिछले महीने ही त्रिपुरा का मुख्यमंत्री बनाया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 June 2022

महाराष्ट्र में सियासी बवाल जारी है

  क्या शिंदे जाएंगे कोर्ट की शरण में    महाराष्ट्र में सियासी बवाल जारी है।  उद्धव ठाकरे गुट और एकनाथ शिंदे गुट में लगातार खींचतान जारी है।वहीं एकनाथ शिंदे ने ट्वीट कर खुद को शिवसेना का विधायक दल का नेता बताया। एकनाथ शिंदे को शिवसेना विधायक दल के नेता के पद से हटाने के महाराष्ट्र के डिप्टी स्पीकर के फैसले पर कानूनी राय लेने के बाद एकनाथ शिंदे खेमा कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगा। शिंदे गुट का कहना है कि डिप्टी स्पीकर को नोटिस का जवाब देने के लिए बागी विधायकों को कम से कम 7 दिन का समय देना चाहिए था। इस बीच केंद्र सरकार ने बागी विधायकों को Y प्लस श्रेणी की सुरक्षा दी है। बागी विधायकों की सुरक्षा के लिए हर समय CRPF के जवान तैनात रहेंगे। वहीं उद्धव ठाकरे को एक और बड़ा झटका लगा है। अब तक उद्धव ठाकर के साथ खड़े दिख रहे मंत्री उदय सामंत ने भी एकनाथ शिंदे खेमे को ज्वाइन कर लिया है। उद्धव कैबिनेट के अभी तक करीब 8 मंत्री शिंदे गुट में शामिल हो चुके हैं। फिलहाल अभी देखना होगा कि ये लड़ाई कहां तक जाती है।  शिंदे शिंदे   नेता घोषित कर चुके हैं।  वहीं उद्धव ठाकरे भी अभी मैदान में बैठे है। राज्यपाल ने फिलहाल सुरक्षा को लेकर निर्देश दिए हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 June 2022

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का दर्द

  अपनों ने ही दिया धोखा  महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का दर्द बयान हुआ है। ठाकरे ने  बागी विधायकों पर विश्वासघात का आरोप लगायाहै । उन्होंने कहा कि जब हिंदुत्व के नाम पर बीजेपी और शिवसेना को अछूत माना जाता था। कोई भी भाजपा के साथ जाने को तैयार नहीं था। सीएम ठाकरे ने कहा, 'बालासाहेब ने कहा था कि हिंदुत्व वोटों का विभाजन नहीं होना चाहिए। हम भाजपा के साथ रहे। अब इसका खामियाजा भुगत रहे हैं।' ठाकरे ने  कहा कि विधायक अगर वहां जाना चाहते हैं तो वे सभी जा सकते हैं। कांग्रेस और एनसीपी हमारा समर्थन कर रही है। शरद पवार और सोनिया गांधी ने हमारा समर्थन किया।   हमारे ही लोगों ने हमारी पीठ में छुरा घोंपा। हमने ऐसे लोगों को टिकट दिया जो जीत नहीं सकते थे। हमने उन्हें विजयी बनाया। उन्हीं लोगों ने हमारी पीठ में छुरा घोंपा। जिन्होंने हमें छोड़ दिया उनके पास भाजपा में जाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। बीजेपी सिर्फ शिवसेना को खत्म करना चाहती है। उद्धव ठाकरे ने कहा, 'अगर आपको लगता है कि मैं बेकार हूं और पार्टी चलाने में असमर्थ हूं, तो मुझे बताएं। मैं खुद को पार्टी से अलग करने के लिए तैयार हूं। आपने अब तक मेरा सम्मान किया क्योंकि बालासाहेब ने ऐसा कहा था। अगर आप कहते हैं कि मैं अयोग्य हूं तो मैं अभी पार्टी छोड़ने को तैयार हूं।' वहीं एक नाथ शिंदे ने दावा किया है की शिवसेना उनकी है।  माना जा रहा है की अब पार्टी के दो  फाड़ होंगे।  जिससे एक नई पार्टी भी बन सकती है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 June 2022

बहुजन समाज पार्टी करेगी मुर्म का समर्थन

सपा ने का यशवं सिन्हा का करेंगे समर्थन    बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए की प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू का समर्थन देने का फैसला किया है। मायावती ने कहा कि विपक्ष की बैठक में नहीं बुलाए जाने पर भी उन्होंने अपनी नाराजगी जाहिर की। मायावती ने कहा कि आदिवासी समाज को अपने आंदोलन का एक विशेष अंग मानते हुए बहुजन समाजवादी पार्टी राष्ट्रपति पद के लिए द्रौपदी मुर्मू को अपना समर्थन देने का फैसला किया है। साथ ही मायावती ने यह भी कहा कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू को समर्थन दिया है, न कि भाजपा या एनडीए को समर्थन दिया है। बसुपा ने एक आदिवासी समाज की सक्षम और मेहनती महिला को देश की राष्ट्रपति बनाने का फैसला किया है। वहीं दूसरी ओर समाजवादी पार्टी ने भी राष्ट्रपति चुनाव को लेकर अपने पत्ते खोल दिए हैं। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा है कि आगामी राष्ट्रपति चुनाव में पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा का समर्थन करेगी। अखिलेश यादव ने शुक्रवार को पार्टी के सभी सांसदों और विधायकों की बैठक बुलाई और उनसे फॉर्म पर हस्ताक्षर करवाकर शीर्ष पद के लिए सिन्हा का नाम प्रस्तावित किया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 June 2022

नहीं थम रहा महाराष्ट्र का सियासी घमासान

  शिवसेना के दो फाड़ होना निश्चित  महाराष्ट्र में सियासी घमासान जारी थमने का नाम नहीं ले रहा है ।अब तक  तस्वीर साफ नहीं हो पाई है। सभी की नजर महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर पर टिकी  हुई है। डिप्टी स्पीकर ने  शिंदे गुट द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को खारिज कर दिया है। उधर  बागी गुट के 16 विधायकों को नोटिस कर दिया गया है। उनके पास जवाब देने के लिए सोमवार शाम 5 बजे तक का मौका है। इस बीच, मुंबई से लेकर दिल्ली और गुवाहाटी तक बैठकों का दौर जारी है। उद्धव ठाकरे हर तरह का कार्ड खेल रहे हैं, वहीं संजय राउत की बयानबाजी भी जारी है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) और कांग्रेस भी Wait n watch की पॉलिसी अपनाए हुए हैं। भाजपा भी यही कर रही है, हालांकि अंदरखाने रणनीति पर काम पहले दिन से जारी है।  विधायक दीपक केसरकर ने कहा कि उनका संगठन कोई नहीं तोड़ रहा है। हम भी उस संगठन के सदस्य हैं, कल भी रहेंगे। जब उद्धव को हकीकत का पता चलेगा तब वो शायद ये निर्णय लें कि हमने जो किया था। वो लोगों को सही नहीं लग रहा तो हम निर्णय बदलते हैं, वो नेता हैं कुछ भी कर सकते हैं। उन्होंने कहा संजय राउत तो बात कही हम इस बारे में जरूर सोचेंगे। हमारा नाम तो शिवसेना ही है। अगर उन्हें लगता है कि उसमें कुछ नहीं जोड़ना तो हम उसको शिवसेना बोलेंगे। हम उनका आदर करेंगे। केसरकर ने आगे कहा, कोई पार्टी हमारे होटल के आवास का भुगतान नहीं कर रही है। हमारे नेता एकनाथ शिंदे ने हमें बुलाया और हम यहां आए हैं। खर्च खुद देंगे। इसके पीछे भाजपा नहीं है। वहीं शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद संजय राउत ने कहा कि बैठक में 6 प्रस्ताव पास हुए हैं। जिसने शिवसेना के साथ गद्दारी या बेईमानी की है। उनपर कठोर कार्रवाई करने के सर्वाधिकार हमने एक प्रस्ताव के माध्यम से उद्धव ठाकरे को दिए हैं। उन्होंने कहा, बालासाहेब ठाकरे का नाम अगर कोई अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए इस्तेमाल करता है, तो हमें ये मंजूर नहीं है। उसपर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। राउत ने कहा कि जो लोग छोड़कर गए हैं। वे शिवसेना के नाम से वोट मत मांगे। अगर मांगते हैं तो अपने खुद के पिता के नाम पर मांगे। अब शिवसेना दो गुटों  में बंटती नजर आ रही है।  एकनाथ शिंदे ने अपने गुट का नाम तय कर लिया है, जिसका औपचारिक ऐलान होगा। शिंदे गुट ने अपने नाम 'बाला साहेब ठाकरे: शिवसेना' रखा है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 June 2022

भारतीय वायु सेना के लिए रजिस्‍ट्रेशन शुक्रवार से शुरू

  ऑनलाइन परीक्षा प्रक्रिया 24 जुलाई से शुरू होगी   भारतीय वायु सेना के लिए नई सैन्य अग्निपथ योजना के रंगरूट अग्निवीरों के पहले बैच के लिए रजिस्‍ट्रेशन शुक्रवार से शुरू हो रहा है। इसके बाद ऑनलाइन परीक्षा ठीक एक महीने बाद आयोजित की जाएगी। पहले चरण की ऑनलाइन परीक्षा प्रक्रिया 24 जुलाई से शुरू होगी। पहले बैच का नामांकन दिसंबर तक होगा और प्रशिक्षण 30 दिसंबर तक शुरू होगा। मालूम हो कि तीनों सेनाओं की संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस 19 जून को हुई थी। एयर मार्शल एस के झा ने कहा, अग्निवरों के पहले बैच के लिए पंजीकरण प्रक्रिया 24 जून से शुरू होगी।  एक बार IAF में नामांकित होने के बाद, अग्निवीर  को वायु सेना अधिनियम 1950 के तहत चार साल के लिए शासित किया जाएगा। IAF द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है, देश के सभी हिस्सों से उम्मीदवारों को अग्निवीर के रूप में नामांकित करने का प्रयास किया जाएगा। समकालीन तकनीक का उपयोग करते हुए औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों, NSQF आदि जैसे मान्यता प्राप्त तकनीकी संस्थानों में विशेष रैलियों और कैम्‍पस इंटरव्‍यूज होंगे। अग्निवीर  IAF में एक अलग रैंक बनाएगा।  जो किसी भी मौजूदा रैंक से अलग होगा। 18 वर्ष से कम आयु के अग्निशामकों के लिए, मौजूदा प्रावधानों के अनुसार नामांकन फॉर्म पर माता-पिता या अभिभावकों द्वारा हस्ताक्षर करने की आवश्यकता होगी। चयन प्रक्रिया दो चरणों में आयोजित की जाएगी और चरण 1 को पास करने वाले उम्मीदवार ही चरण 2 के लिए उपस्थित होने के पात्र होंगे। आपको बता दें कि जो भी दंगों शामिल रहा है उसको अग्निवीर बनने का मौका नहीं मिलेगा। अग्निवीरों को पुलिस वेरिफिकेशन जरूरी होगा।  गौरतलब है की अग्निवीर योजना का कई प्रदेशों में हिंसक विरोध हुआ।  जिसमे सरकारी सम्पत्ति को नुक्सान पहुंचाया गया था।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 June 2022

महाराष्ट्र में राजनीतिक सियासत चरम पर

शिवसेना के 3 और विधायक गुवाहाटी पहुंचे    महाराष्ट्र में राजनीतिक सियासत चरम पर है।  सियासी संग्राम के बीच कुछ और शिवसेना विधायकों ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का साथ छोड़ दिया है।  शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि हम नहीं झुकेंगे। संजय राऊत कहा विधानसभा में विश्वास मत जीतकर दिखाएंगे। अगर यह लड़ाई सड़कों पर लड़ी गई तो हम उसे भी जीतेंगे। जो चले गए उन्हें हमने वापस आने का मौका दिया, लेकिन अब बहुत देर हो चुकी है। मैं उन्हें विधानसभा में फ्लोर पर आने की चुनौती देता हूं। बताया जा रहा है कि  कुछ और विधायक गुवाहाटी पहुंच चुके हैं। शिवसेना के 3 और विधायक गुवाहाटी पहुंच चुके हैं।   3 विधायकों के अलावा 5 निर्दलीय विधायक भी पहुंचे हैं। वहीं शिवसेना के बागी गुट के नेता एकनाथ शिंदे ने संजय राउत को जवाब दिया है कि 12 विधायकों के खिलाफ कार्रवाई की अर्जी देकर आप हमें डरा नहीं सकते हैं। हम शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे के असली शिवसेना हैं। हम शिव सैनिक हैं। आप किसे डराने की कोशिश कर रहे हैं? हम भी कानून को जानते हैं। संविधान की 10वीं अनुसूची के अनुसार व्हिप विधानसभा कार्य के लिए है, बैठकों के लिए नहीं। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट के कई फैसले हैं। उधर सीएम उद्धव ठाकरे के सीएम हाउस खाली करने के बाद अटकलें तेज हो गई थी। अब माना जा रहा है की बीजेपी अपना दावा पेश करेगी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 June 2022

द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति चुनाव का नामांकन दाखिल किया

  पीएम मोदी, राजनाथ सिंह , अमित शाह रहे मौजूद    झारखंड के पूर्व राज्यपाल और आदिवासी महिला नेता 64 वर्षीय द्रौपदी मुर्मू आज राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपना नामांकन दाखिल कर दिया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं भी मौजूद रहें। द्रौपदी मुर्मू  के नामांकन के दौरान ओडिशा की सत्तारूढ़ बीजू जनता दल  प्रतिनिधि के रूप में मौजूद रहे। NDA की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का नामांकन दाखिल करने से पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संसद पहुंचे। गौरतलब है कि ओडिशा में बीजद सरकार ने मुर्मू की उम्मीदवारी का समर्थन किया है। मुर्मू के नामांकन पत्र में प्रधानमंत्री मोदी पहले प्रस्तावक होंगे। भाजपा अध्यक्ष नड्डा सहित पार्टी के अन्य शीर्ष नेता भी प्रस्तावकों में शामिल होंगे। वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति पद के लिए मुर्मू की उम्मीदवारी की देशभर में सभी वर्गों द्वारा सराहना की जा रही है। पीएम मोदी ने ट्विटर पर द्रौपदी मुर्मू के साथ तस्वीरों को शेयर करते हुए कहा कि द्रौपदी मुर्मू जी से मुलाकात की। राष्ट्रपति पद के लिए उनकी उम्मीदवारी की देश भर में और समाज के सभी वर्गों द्वारा सराहना की जा रही है। जमीनी समस्याओं के बारे में उनकी समझ और भारत के विकास के लिए उनका विजन बेहतरीन है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 June 2022

क्या चमकती हुई वस्तु उल्कापिंड थी

राजस्थान  में गिरा उल्का पिंड या राकेट है    राजस्थान में एक बार फिर अजीबो गरीब आसमानी नजारा देखने को मिला।  एक चमकती हुई वस्तु आस्मां से नीचे गिरी।  अंदेशा लगाया जा रहा है की यह उल्कापिंड था।  पाकिस्तान बॉर्डर से सटे इलाकों में बुधवार रात हुई एक घटना से  हैरान है । आसमान में तेज धमाके के साथ दिखी रोशनी से सनसनी फैल गई। बताया गया कि यह रोशनी पाकिस्तान बॉर्डर की तरफ जा रही थी। घटना श्रीगंगानगर के सूरतगढ़ में बुधवार को रात करीब 8:30 बजे हुई।  आसमान में अचानक तेज धमाके के साथ एक रोशनी दिखाई दी। रॉकेट जैसी दिखने वाली यह रोशनी धीरे-धीरे आगे बढ़ती दिखी। इस दौरान कुछ लोगों ने इसका वीडियो भी बना लिया। यह रोशनी सूरतगढ़ के अलावा बीकानेर, खाजूवाला और रावला तक दिखाई दी। आशंका है कि बॉर्डर के आस-पास ये जमीन पर गिरे हैं। फिलहाल  इसकी पुष्टि नहीं हुई है। इस घटना के बारे में स्थानीय प्रशासन जानकारी जुटाने में लगा है। आपको बताते चलें 23 दिसंबर 2020 को बीकानेर-सूरतगढ़ हाईवे पर रात में 6 उल्काओं के टूटने की घटना हुई थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 June 2022

पीएम नरेंद्र मोदी की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात

  24 जून को अपना नामांकन दाखिल करेंगी   बीजेपी से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू दिल्ली पहुंची। इस मौके पीएम नरेंद्र मोदी ने एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की। द्रौपदी मुर्मू  कल 24 जून को अपना नामांकन दाखिल करेंगी। मोदी ने ट्वीट पर लिखा कि, श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी से मुलाकात की। उनके राष्ट्रपति पद के नामांकन को समाज के सभी वर्गों द्वारा पूरे भारत में सराहा गया है। जमीनी समस्याओं के बारे में उनकी समझ और भारत के विकास के लिए विजन बेजोड़ है। माना जा रहा है कि द्रौपदी मुर्मू भावी राष्ट्रपति होंगी।  वोटिंग में आगे रहने की उम्मीद है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 June 2022

महाराष्ट्र में सियासी खेल जारी

  एकनाथ शिंदे समर्थक विधायकों के साथ असम में    महाराष्ट्र में सियासी संकट अभी भी जारी है।उद्धव ठाकरे की अगुवाई में बनी महाविकास अघाड़ी सरकार किसी भी पल गिर सकती है। शिवसेना के पुराने नेता एकनाथ शिंदे अपने समर्थक विधायकों के साथ असम की राजधानी गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल में ठहरे हैं। वहीं अब लगता है उद्धव ठाकरे एक तरह से हार मान ली है। ठाकरे ने सीएम हाउस छोड़कर  मातोश्री लौट आए हैं। शिंदे कैंप का दावा है कि शिवसेना पूरी तरह टूट चुकी है। उद्धव ठाकरे के पास कुल 55 में से सिर्फ 13 विधायक बचे हैं। अब  सबसे बड़ा दल  जिसके पास 106 सीट होने के नाते भाजपा सरकार बनाने का दावा पेश करेगी। महाविकास अघाड़ी से बाहर निकलने को तैयार शिवसेना, लेकिन. शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने बड़ा बयान दिया है। उन्होने कहा है कि विधायकों को गुवाहाटी से संवाद नहीं करना चाहिए, वे वापस मुंबई आएं और सीएम से इस सब पर चर्चा करें। हम सभी विधायकों की इच्छा होने पर एमवीए (MVA) से बाहर निकलने पर विचार करने के लिए तैयार हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें यहां आना होगा और सीएम से चर्चा करनी होगी।शिवसेना यहीं नहीं फसी है। अब शिवसेना को अपना चुनाव चिन्ह की कवायद शुरू करनी पड़ेगी। अब चुनाव चिह्न की लड़ाई भी शुरू हो गई है। एकनाथ शिंदे ने खुद को असली शिवसेना बताया है। इस बीच उद्धव ठाकरे ने मुंबई में रह रहे सभी पार्टी पदाधिकारियों को तत्काल अपने निवास पर बुलाया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 June 2022

असम में बाढ़ के हालात ,नदियां उफान पर

  47 लाख से अधिक लोग प्रभावित   असम में बाढ़ का खतरा बढ़ता जा रहा है। यहां की नदियां उफान पर है। जिसकी वजह से बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। अबतक 47 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। वहीं 82 लोगों की मौत हुई है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने स्थिति जानने के लिए मुख्यमंत्री हिमंत विश्व सरमा से बातचीत की। गौरतलब है कि पिछले एक सप्ताह से राज्य विनाशकारी बाढ़ का सामना कर रहा है। बाढ़ से 32 जिलों में 47,72,140 लोग प्रभावित हुए हैं। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार 11 और लोगों की जान जानने के बाद मृतकों की संख्या 82 हो गई है। बाढ़ में कई लोगों के लापता होने की खबरे भी आ रही है। डर्रांग में तीन, नगांव में दो, कच्छार, डिब्रूगढ़, हैलकांडी, होजाई, कामरूप और लखीमपुर में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। उदालगुरी व कामरूप में दो-दो, कच्छार डर्रांग और लखीपुर में एक-एक शख्स लापता बताया जा रहा है। वही इसको लेकर सीएम  हिमंत सरमा ने ट्वीट कर लिखा कि  लिखा कि गृहमंत्री अमित शाह ने राज्य की बाढ़ की स्थिति के बारे में पता करने के लिए सुबह दो बार कॉल किया। उन्होंने बताया, गृहमंत्रालय जल्द ही अधिकारियों का एक दल प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान का आकलन करने के लिए भेजेगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 June 2022

द्रौपदी मुर्मू होंगी बीजेपी की राष्ट्रपति उम्मीदवार

  देश की पहली आदिवासी महिला राज्यपाल रही है मुर्मू   राष्ट्रपति चुनाव को लेकर भाजपा ने प्रत्याशी की घोषणा कर दी है।  भाजपा ने द्रौपदी मुर्मू को अपना उम्मीदवार बनाया है। दिल्ली में पार्टी के मुख्यालय में हुई संसदीय बोर्ड की बैठक में यह फैसला लिया गया। देश की पहली आदिवासी महिला राज्यपाल मुर्मू, झारखंड की पहली महिला गवर्नर भी रह चुकी हैं। उन्होंने 18 मई 2015 को पद संभाला था। दो बार विधायक रह चुकी द्रौपदी ने अपने करियर की शुरुआत टीचर के रूप में की। उन्होंने ओडिशा के सिंचाई विभाग में भी काम किया है। उन्हें बेस्ट विधायक के अवार्ड से भी नवाजा जा चुका है। द्रौपदी मुर्मू ओडिशा में मयूरभंज जिले के कुसुमी ब्लॉक के उपरबेड़ा गांव के एक संथाल आदिवासी परिवार से आती हैं। इनका जन्म 20 जून 1958 को ओडिशा में हुआ था। वह दिवंगत बिरंची नारायण टुडू की बेटी हैं। मुर्मू की शादी श्याम चरम मुर्मू से हुई थी। उन्होंने 1997 में अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की और तब से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। द्रौपदी मुर्मू 1997 में ओडिशा के राजरंगपुर जिले में पार्षद चुनी गईं। 1997 में ही मुर्मू बीजेपी की ओडिशा ईकाई की अनुसूचित जनजाति मोर्चा की उपाध्यक्ष भी बनी थीं। मुर्म के राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाने को लेकर राजनीतिक सलाहकार और जानकार इसे बीजेपी का बड़ा दांव मान रहे हैं।  इसको कई चुनावों से जोड़कर भी देखा जा रहा है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 June 2022

गिर सकती महाराष्ट्र सरकार

  उद्धव ठाकरे दे सकते है इस्तीफ़ा   महाराष्ट्र में सियासत तेजी से बदल रही  है। यहां बड़े उलट फेर की उम्मीद जताई जा रही है। शिवसेना के दिग्गज नेता एकनाथ शिंदे की बगावत के बाद उद्धव ठाकरे सरकार पर संकट मंडरा रहा है।  शिवसेना के बागी विधायकों को बुधवार सुबह असम की राजधानी गुवाहाटी लाया गया। गुवाहाटी एयरपोर्ट पर एकनाथ शिंदे ने बड़ा दावा किया। बकौल एकनाथ शिंदे, मेरे साथ शिवसेना के 40 विधायक मौजूद हैं। खबर यह भी है कि एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र राज्यपाल को चिट्ठी भी लिख दी है और माना जा रहा है कि वे जल्द ही राज्यपाल से मिल सकते हैं। हालांकि एक बुरी खबर यह है कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी कोरोन संक्रमित हो गए हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इससे महाराष्ट्र का घटनाक्रम लंबी खींच सकता है। कहा जा रहा है कि गोवा के राज्यपाल को महाराष्ट्र का अतिरिक्त प्रभार दिया जा सकता है।सियासी संकट के बीच उद्धव ठाकरे ने कैबिनेट बैठक बुलाई थी। बैठक में एनसीपी और कांग्रेस कोटे के मंत्री जरूर पहुंचे, लेकिन शिवसेना का कोई मंत्री नहीं आया। खुद उद्धव ठाकरे भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जरिए जुटे, क्योंकि उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। आपको बता दें कभी भी किसी भी वक्त इस्तीफा दे सकते हैं। उद्धव ठाकरे के बारे में कहा जा रहा है कि अब वे इस्तीफा देने का मन बना रहे हैं। इस बारे में उद्धव अपने सहयोगियों और सरकार के साथियों से विचार-विमर्श कर रहे हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 June 2022

यशवंत सिन्हा विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति पद उम्मीदवार

NCP प्रमुख शरद पवार के आवास पर हुई विपक्ष की बैठक    राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्ष की ओर से यशवंत सिन्हा को राष्ट्रपति पद के लिए प्रत्याशी बनाया गया है।  दिल्ली में NCP प्रमुख शरद पवार के आवास पर हुई विपक्षी दलों की बैठक में यशवंत सिन्हा के नाम को मंजूरी दी गई। टीएमसी नेता ममता बनर्जी ने यशवंत सिन्हा के नाम का प्रस्ताव रखा था। यशवंत सिन्हा ने अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली NDA सरकार में केंद्रीय वित्त मंत्री और विदेश मंत्री के रूप में काम कर चुके हैं। नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद भाजपा में उनकी पटरी नहीं जमी और समय-समय पर पार्टी हाईकमान पर ही निशाना साधते रहे।  साल 2021 में तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने से पहले यशवंत सिन्हा ने 2018 में भाजपा छोड़ दी थी। यशवंत सिन्हा को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से ठीक टीएमसी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया था।यशवंत सिन्हा ने राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया कि TMC में मुझे जो सम्मान दिया, उसके लिए मैं ममता जी का आभारी हूं। अब समय आ गया है जब एक बड़े राष्ट्रीय उद्देश्य के लिए मुझे पार्टी के बाहर अधिक से अधिक विपक्षी एकता के लिए काम करना चाहिए।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 June 2022

केंद्र सरकार ने पीएम श्रम योगी मानधन योजना शुरू की

  मजदूरों को भी पेंशन देने की शुरुआत की जा रही   केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना शुरू की है। जिसमे  मजदूरों को भी पेंशन देने की शुरुआत की जा रही है। पीएम श्रम योगी मानधन योजना असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए यह एक बेहतरीन योजना है। इस योजना के तहत रेहड़ी-पटरी वालों, रिक्शा चालक, निर्माण श्रमिकों और असंगठित क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए वृद्धावस्था में पेंशन की सुविधा की गई है। पीएम श्रम योगी मानधन योजना के तहत सरकार मजदूरों को पेंशन की गारंटी देती है, जिसमें रोज सिर्फ 2 रुपये की बचत करके सालाना 36 हजार  रुपये की पेंशन प्राप्त कर सकते हैं। पीएम श्रम योगी मानधन योजना को शुरू करने पर हितग्राही को हर माह 55 रुपए जमा करने होंगे। 18 साल की उम्र में रोजाना करीब 2 रूपए की बचत करता है तो 60 वर्ष की उम्र के बाद उसे 36000 रुपये पेंशन मिलेगी। अगर कोई व्यक्ति 40 साल की उम्र से इस योजना को शुरू करता है तो उसे हर महीने 200 रुपए जमा करने होंगे। 60 साल की उम्र के बाद पेंशन मिलने लगेगी। 60 साल बाद 3000 रुपये प्रति माह यानी 36000 रुपए प्रति वर्ष पेंशन मिलेगी।इस योजना का  लाभ लेने के लिए एक बचत बैंक खाता होना जरूरी है। इसके लिए हितग्राही के पास आधार कार्ड होना चाहिए। व्यक्ति की आयु 18 वर्ष से कम और 40 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। मन सर्विस सेंटर  में योजना के लिए नामांकन कराया जाएगा।  इसके लिए श्रमिक सीएससी केंद्र में पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। सरकार ने इस योजना के लिए एक वेब पोर्टल भी बनाया है। ऑनलाइन भी नामांकन किया जा सकता है। रजिस्ट्रेशन करते समय आपको आधार कार्ड, बचत या जन धन बैंक खाते की पासबुक, मोबाइल नंबर की आवश्यकता होगी। टोल फ्री नंबर 18002676888 से पूरी जानकारी ली जा सकती है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 June 2022

महाराष्ट्र में मचा राजनीतिक भूचाल

  एकनाथ शिंदे 35 बागी विधायकों के साथ सूरत में     महाराष्ट्र में राजनीतिक उठा पटक जारी है। महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव परिणाम आने के बाद उद्धव ठाकरे सरकार के लिए नई मुश्किल खड़ी हो गई है। बताया जा रहा है कि 35 विधायकों को लेकर शिवसेना के एकनाथ शिंदे ने बगावत कर दी है। एकनाथ शिंदे 35 बागी विधायकों को लेकर सूरत की होटल में ठहरे हैं। आपको बता दें कि  एमएलसी चुनावों में 12 विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की। जिसको लेकर यह माना जा रहा था की यह होगा।  अब सुबह से महाविकास अघाड़ी के कई विधायक नॉट रिचेबल हैं। शुरू में यह संख्या 13 थी, जो अब बढ़कर 35 हो गई है। औरंगाबाद के सभी विधायक नॉट रिचेबल हैं। इसके बाद हड़कंप मचा है। उद्धव ठाकरे के साथ ही NCP प्रमुख शरद पवार ने आपात बैठक बुलाई है। शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत अपना दिल्ली दौरा छोड़कर मुंबई लौट आए हैं। अपुष्ट खबरों के मुताबिक, ये विधायक सूरत में हैं। बताया जा रहा है कि सूरत में बागी विधायक नितिन देशमुख की तबीयत बिगड़ गई । जिसके बाद सीने में दर्द की शियाकत पर उन्हें  सूरत के सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। नितिन देशमुख शिवसेना से विधायक हैं।  उधर दिल्ली में हलचल तेज हो गई है।  दिल्ली में भी महाराष्ट्र सरकार को लेकर चर्चाएं तेज हो गई है।  मामले को लेकर  संजय राउत ने कहा, जब तक महाराष्ट्र में शिवसेना है, अस्थिरता नहीं आएगी। शिवसेना का कोई नेता ऐसा नहीं है जो बिक जाए। भाजपा यह साजिश रच रही है। वहीं खबर ये भी है कि  फडणवीस दिल्ली पहुंच गए हैं। वहीं कांग्रेस ने भी महाराष्ट्र के अपने सभी बड़े नेताओं को दिल्ली बुलाया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 June 2022

एयरपोर्ट पर एक बड़ा हादसा टला

  स्पाइसजेट से पक्षी टकराया ,लगी आग    पटना एयरपोर्ट पर एक बड़ा हादसा होने से टल गया। दरअसल रविवार की दोपहर 12:00 बजे स्पाइसजेट की एसजी - 725 जैसे ही टेक ऑफ कर ऊपर गई उसके इंजन में अचानक आग लग गई।  जिसके बाद विमान की इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी।  विमान में मौजूद सभी 198 यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।  स्पाइस जेट के पायलट ने सूझबूझ से काम करते हुए सुरक्षित विमान को लैंडिंग कराया। जिससे पटना में एक बड़ा हादसा होने से बच गया। मामले को लेकर डीजीसीए ने बताया कि पक्षी के टकराने से इंजन में आग लगी थी। इसके बाद विमान की  लैंडिंग करवाई गई। वहीं दूसरी फ्लाइट से शाम 4:00 बजे सभी यात्रियों को दिल्ली  भेजा गया। स्पाइसजेट फ्लाइट के प्रवक्ता की मानें तो इंजन नंबर एक पर संदिग्ध पक्षी के टकराने से तीन पंखे क्षतिग्रस्त हो गए थे।  जिसके बाद विमान की इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 June 2022

कांग्रेस नेता राहुल गांधी एक बार फिर ईडी दफ्तर पहुंचे

  ईडी ने अब तक 3 दिन में 30 घंटे की पूछताछ की   कांग्रेस नेता राहुल गांधी एक बार फिर प्रवर्तन निदेशालय  के दफ्तर पहुंचे। यहां उनसे पूछताछ शुरू की गई है।  उनके साथ उनकी बहन प्रियंका वाड्रा भी मौजूद थी। नेशनल हेराल्ड मामले में उनसे पूछताछ हो रही है।सुबह प्रियंका वाड्रा उनके तुगलक रोड स्थित आवास पहुंची। जहां से दोनों ने वकील से  मशवरा किया।  बात करें तो राहुल गांधी से ईडी ने अब तक 3 दिन में 30 घंटे की पूछताछ की है।  नेशनल हेराल्ड केस में राहुल के अलावा सोनिया गांधी सुमन दुबे और सैम पित्रोदा भी आरोपी हैं।  उधर नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस का धरना प्रदर्शन जारी है। कांग्रेस ने लगातार इसका विरोध किया है। और अभी तक इसका विरोध जारी है।  राहुल गांधी से 3 दिन की पूछताछ में अब तक सिर्फ 50% सवाल ही पूछे जा चुके हैं। सूत्रों की मानें तो ईडी उनके जवाब से असंतुष्ट  है।  राहुल ने यंग इंडिया लिमिटेड को नो प्रॉफिट नो लॉस वाली कंपनी बताया।  लेकिन ईडी अधिकारियों ने सामाजिक कार्यों को गिनाने को कहा। जो इस कंपनी के  द्वारा किए गए हो।  जिसपर सवाल अभी उठ रहे हैं।   आपको बताते चलें कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी के यंग इंडिया में 76 परसेंट के शेयर हैं।  उधर ईडी की पूछताछ के दौरान राहुल गांधी के बयानों पर मोतीलाल वोरा के बेटे अरुण वोरा ने प्रतिक्रिया दी।  उन्होंने कहा है कि नेशनल हेराल्ड केस में पूछताछ के दौरान राहुल गांधी ने ट्रांजैक्शन में पार्टी के दिवंगत नेता मोतीलाल वोरा का नाम लिया था।  राहुल गांधी के मुताबिक एजीएल और यंग इंडिया के बीच हुई लेनदेन के तमाम ट्रांजैक्शन मोतीलाल बोरा ही देखते थे।  अरुण वोरा ने कहा था की राहुल गांधी के आरोप निराधार हैं।  उनके पिता के खिलाफ इस तरह के आरोप नहीं लगाए जा सकते।  फिलहाल ईडी राहुल गाँधी से सवालों के जवाब ढूढ़ रही है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 June 2022

अग्निपथ योजना के विरोध में बंद का ऐलान

  सेना ने कहा जो दंगों में शामिल नहीं मिलेगा मौका  अग्नीपथ योजना में कई बदलाव किए गए लेकिन अब देश की सेना ने साफ कर दिया है कि अग्निपथ योजना वापस नहीं होगी। बावजूद इसके कुछ संगठनों ने भारत बंद का ऐलान किया है।  बात करें बिहार झारखंड और बंगाल में इसका असर देखने को मिला है। सोशल मीडिया के जरिए भारत बंद की अपील की गई है। इसे देखते हुए बिहार झारखंड पंजाब समेत कई राज्यों में सुरक्षा के बंदोबस्त किए गए हैं। बिहार के 20 जिलों में इंटरनेट बंद है मुजफ्फरपुर में धारा 144 लागू है। अफवाहों को रोकने के लिए इंटरनेट भी बंद कर दिए गए हैं। यहां 6 कोचिंग सेंटर्स के खिलाफ एफ आई आर दर्ज की गई है। अब तक पूरे बिहार से कुल 804 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।  झारखंड के रांची में स्कूल बंद है।  वही नोएडा में भी पुलिस ने सख्ती कर दी है। गौरतलब है कि अग्नीपथ योजना में उम्र 21 से 23 साल कर दी गई है।  इसके बावजूद अग्निपथ योजना का विरोध रुकने का नाम नहीं ले रहा सेना ने साफ किया है कि अग्नीपथ योजना वापस नहीं की जाएगी अग्नीपथ योजना के जरिए और भी कई मिलिट्री सुविधाएं देने का वादा किया गया है। उधर कुछ प्राइवेट कंपनियां जैसे महिंद्रा और अन्य कंपनियों ने अग्निपथ योजना से निकलने वाले सुर वीरों को नौकरी देने की बात कही है उधर उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश। और अन्य अन्य प्रदेशों में सरकार पुलिस भर्ती में छूट देगी इसके साथ ही सेना ने यह भी साफ किया है कि जो भी इस दंगे में उपद्रवी शामिल थे उनको सेना में भर्ती का मौका नहीं दिया जाएगा। भर्ती करने से पहले उनका पुलिस वेरिफिकेशन होगा। अगर वह दंगों में शामिल हुए होंगे तो उनको सेना में भर्ती होने का मौका नहीं दिया जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 June 2022

पीएम मोदी ने किया विकास परियोजनाओं का शिलान्यास

  वडोदरा में 21हजार करोड़ रुपए की योजना का शिलान्यास    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात दौरे पर हैं। आज पीएम मोदी का गुजरात दौरे का दूसरा दिन है।  दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वडोदरा में 21,000 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस मौके पर उन्होंने रैली को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा आज का दिन मेरे लिए मातृ वंदना का दिवस है। आज प्रात: जन्म दात्री मां के आशीर्वाद लिया उसके बाद जगत जननी मां काली का आशीर्वाद लिया और अभी मातृ शक्ति के विराट रूप के दर्शन करके उनके आशीर्वाद लिया। मुझे खुशी है कि संस्कार नगरी वड़ोदरा से आज करीब 21 हजार करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास हुआ है। पीएम मोदी ने कहा ये प्रोजेक्ट गुजरात के विकास से भारत का विकास की प्रतिबद्धता को बल देने वाले हैं। इन प्रोजेक्ट्स में भी अधिकतर हमारी बहन-बेटियों के स्वास्थ्य, पोषण और सशक्तिकरण से जुड़े हैं। आज यहां लाखों की संख्या में माताएं बहनें हमें आशीर्वाद देने भी आई हैं। 21वीं सदी के भारत के तेज विकास के लिए महिलाओं का तेज विकास, उनका सशक्तिकरण उतना ही जरूरी है। मोदी ने कहा आज भारत, महिलाओं की आवश्यकताओं, उनका आकांक्षाओं को ध्यान में रखते हुए योजनाएं बना रहा है।  हमने महिलाओं के जीवन चक्र के हर पड़ाव को ध्यान में रखते हुए अनेक नई योजनाएं बनाई हैं। महिलाओं का जीवन आसान बनें, उनके जीवन से मुश्किलें कम हो, उन्हें आगे बढ़ने के ज्यादा से ज्यादा अवसर मिलें, ये हमारी सरकार की प्राथमिकताओं में से एक है। आपको बताते चलें पीएम मोदी ने गुजरात के विकास के लिए नए आयाम गढ़े हैं। गुजरात विकास को लेकर आगे है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 June 2022

EC का एक से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ने से रोकने का प्रस्ताव

  केंद्र सरकार से कहा कानून में संशोधन हो नहीं खर्च जुर्माना लगे     चुनाव आयोग ने एक से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ने से रोकने के लिए केंद्र को सुझाव भेजा है। इसको लेकर  कानून में संशोधन पर जोर दिया गया  है। चुनाव आयोग ने ये भी कहा की एक उम्मीदवार दो जगह से चुनाव लड़ता है।  और एक सीट पर उपचुनाव होता है। इसके लिए उम्मीदवारों पर जुर्माना लगाया जाना चाहिए, क्योंकि यह निर्वाचन क्षेत्र को खाली और उपचुनाव करवाने के लिए बाध्य करता है। कानून मंत्रालय में विधायी सचिव के साथ बातचीत में मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने 2004 में प्रस्तावित सुधार के लिए यह जोर दिया। ये  विधायी विभाग इलेक्शन कमीशन से संबंधित मुद्दों से निपटने के लिए नोडल एजेंसी है। फिलहाल चुनावी कानून में एक उम्मीदवार को दो अलग-अलग निर्वाचन क्षेत्रों से चुनाव लड़ने की अनुमति है। अगर कोई उम्मीदवार एक से अधिक सीटों से निर्वाचित होता है, तो वह केवल एक पर कब्जा कर सकता है। जिसमे उसने जीत हासिल की हो । 1996 में जनप्रतिनिधित्व अधिनियम में संशोधन किया गया था। ताकि किसी व्यक्ति को दो से अधिक सीटों से चुनाव लड़ने से रोका जा सके। चुनाव आयुक्त ने प्रस्ताव का हवाला देते हुए कहा कि पोल पैनल ने 2004 में आरपी अधिनियम में कुछ धाराओं में संशोधन का प्रस्ताव दिया था। जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि उम्मीदवार एक से अधिक निर्वाचन क्षेत्रों से चुनाव नहीं लड़ सकता है। उन्होंने ये भी कहा अगर मौजूदा प्रावधानों को बरकरार रखना है तो दो सीटों से चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार को उस सीट के लिए उपचुनाव का खर्च वहन करना चाहिए। जिसे जीत हासिल करने की स्थिति में खाली करने का फैसला करता है। खर्च राशि पांच से दस लाख तक रखने की बात कही गई थी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 June 2022

आधार कार्ड को भी वोटर आईडी से लिंक करना जरूरी

कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट कर दी जानकारी    केंद्र सरकार ने आधार कार्ड को भी वोटर आईडी से लिंक करना जरूरी कर दिया है। कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है।आपको बता दें आधार को पैन कार्ड से लिंक करना पहले से ही जरूरी था, लेकिन अब सरकार के इस फैसले से किसी व्यक्ति के पास सिर्फ एक वोटर ID कार्ड होगा।  एक से ज्यादा वोटर ID कार्ड रखने वालों की पहचान करने से फर्जी कार्ड को खत्म करने में मदद मिलेगी। सरकार ने इस संबंध में नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया है।  कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने अपने ट्वीटृ में एक चार्ट शेयर किया, जिसमें उन्होंने बताया की  मतदाता सूची डेटा को आधार से जोड़ने के बाद एक ही व्यक्ति द्वारा विभिन्न स्थानों पर कई मतदाता पहचान पत्र का उपयोग किया जा सकता है। चुनावी प्रक्रिया में सुधार के लिए मोदी सरकार की ओर से यह ऐतिहासिक कदम उठाया गया है। आपको बता दें 1 अप्रैल, 2022 से पैन कार्ड को आधार से जोड़ने पर जुर्माना भरना होगा। 30 जून के बाद से आपको दोहरा जुर्माना भरना होगा। 1 अप्रैल 2022 से आधार को पैन नंबर से जोड़ने पर 500 रुपए का जुर्माना भरना पड़ता है। लेकिन अगर आप 30 जून 2022 तक लिंक नहीं कराते हैं तो आपको 1 जुलाई से 1,000 रुपए का जुर्माना भरना होगा। अब आधार कार्ड को वोटर आईडी से भी तत्काल लिंक करना होगा। कानून मंत्री ने इसे केंद्र और मोदी सरकार की अच्छी पहल बताया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 June 2022

सीएम गहलोत का केंद्र पर निशाना

  परिवार के सदस्यों का क्या कसूर   राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत के यहां सीबीआई के छापेमार कार्रवाई के बाद सियासत गर्म है। गहलोत ने कहा मैं राहुल गांधी से ED पूछताछ का विरोध करता हूं, तो इसका बदला मेरे भाई से क्यों लिया जा रहा है।   उनका राजनीति से कोई संबंध नहीं है। उनके परिवार का कोई सदस्य राजनीति में नहीं है। यह समझ से परे है कि पहले ED और अब CBI उनके यहां पहुंच गई। गहलोत ने कहा- पीएम मोदी के भाई को कोई नहीं जानता उसी तरह मेरे भाई को नहीं जानते थे। परिवार के सदस्यों का क्या कसूर है।  कोई राजनीति में भाग ले रहा है तो उसके परिवार पर सरकार का हमला, दबाव उचित नहीं कहा जा सकता। इससे हम घबराने वाले नहीं हैं। मैं  दिल्ली जाऊंगा। और वापस मूवमेंट में भाग लूंगा। केंद्र  सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर अत्याचार कर रहे हो। नेशनल हेराल्ड अखबार चलाने वाली कंपनी नोन प्रोफिट कंपनी है। आप एक रुपए का प्रोफिट ले नहीं सकते, तो मनी लॉन्ड्रिग कैसे हो गई।  सीएम गहलोत ने कहा जहां हिंदू ज्यादा हैं, वहां मुस्लिम सो नहीं पा रहा हैं। पता नहीं क्या होगा? इस माहौल में देश जी रहा है और चल रहा है। देश के अंदर खतरनाक खेल हो रहा है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 June 2022

अग्निपथ भर्ती प्रक्रिया जल्द शुरू होगी

  2 दिनों के भीतर नोटिफिकेशन जारी होगा    अग्निपथ योजना को लेकर बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा। उधर भर्ती को लेकर सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने कहा कि अग्निवीरों की भर्ती प्रक्रिया जल्द शुरू होने वाली है। अगले 2 दिनों के भीतर नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा। उसके बाद सेना भर्ती संगठन पंजीकरण और रैली कार्यक्रम घोषित करेंगे। भारत वायुसेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने कहा- वायु सेना के लिए भर्ती प्रक्रिया 24 जून से शुरू होगी। उधर भर्ती को लेकर बिहार में 25 जिलों में जमकर बवाल हुआ।  समस्तीपुर में 2, लखीसराय में 2, आरा और सुपौल में एक-एक यात्री ट्रेन में आग लगा दी गई ।  बक्सर और नालंदा सहित  कई जिलों में रेलवे ट्रैक पर आगजनी की गई है। आरा में सड़क पर आगजनी के बाद जाम लगाया गया । बेतिया में डिप्टी सीएम रेणु देवी के सरकारी आवास पर पथराव किया गया है।  दरभंगा में उपद्रवियों ने रोड जाम कर दिया। वैशाली के हाजीपुर रेलवे स्टेशन पर उग्र छात्रों ने तोड़फोड़ की है। समस्तीपुर में प्रदर्शनकारियों ने जम्मूतवी-गुवाहाटी एक्सप्रेस, बिहार संपर्क क्रांति में आग लगा दी। हाजीपुर-बरौनी रेलखंड के मोहिउद्दीननगर स्टेशन पर भी आगजनी की गई है। अग्निपथ योजना में कुछ बदलाव किये गए हैं फिर भी बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा। इसमें मुख्य वजह 4 साल जो अब पांच कर  उसको लेकर है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 June 2022

अग्निपथ को लेकर विरोध जारी

  कई ट्रेनों को करना पड़ा निरस्त  सेना में भर्ती के लिए शुरू हुई अग्निपथ योजना को लेकर देश में युवाओं में नाराजगी है। अग्निपथ को लेकर देश के अलग-अलग राज्यों में गुस्साए छात्र विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान सहित कई राज्यों में छात्रों ने ट्रेनों को निशाना बनाया है। छात्रों के हिंसक प्रदर्शन के कारण कई यात्री ट्रेनों प्रभावित हुई है। रेलवे के मुताबिक शुक्रवार को करीब 38 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है।  विरोध प्रदर्शन के कारण करीब 72 ट्रेनें प्रभावित हुई है। 13 ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द किया गया है। 5 मेल और एक्सप्रेस व 29 से अधिक यात्री ट्रेनें रद्द की गई है।  ईस्टर्न सेंट्रल रेलवे की 3 रनिंग ट्रेनों कोच को नुकसान हुआ  है। नुकसान  के आंकलन का पता लगाया जा रहा है। रेलवे ने हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए कई ट्रेनों को फिलहाल के लिए रोक दिया है।  कई ट्रेनोंको रद्द कर दिया गया है।  उधर मध्यप्रदेश के ग्वालियर में भी हिंसक प्रदर्शन हुए हैं।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 June 2022

योगी सरकार की कार्रवाई को लेकर SC में सुनवाई

  नोटिस जारी कर पूछा कार्रवाई कानूनी प्रक्रिया के तहत है ? उत्तर प्रदेश में भड़की हिंसा के बाद योगी सरकार की कार्रवाई को लेकर उच्चतम न्यायालय में सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस बोपन्ना और विक्रम नाथ की बेंच ने बुल्डोजर कार्रवाई पर योगी आदित्यनाथ सरकार को नोटिस जारी किया है। आपको बता दें भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के विवादित बयान को लेकर हिंसा हुई थी। वहीं अब सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस में योगी सरकार से पूछा है कि कानूनी प्रक्रिया के तहत बुलडोजर कार्रवाई की गई है या नहीं? सुप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार को नोटिस जारी करते हुए साफ कहा है कि किसी भी तरह की तोड़फोड़ की कार्रवाई कानून की प्रक्रिया के हिसाब की जानी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राज्य को सुरक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से कहा कि हम नोटिस जारी करेंगे, आप 3 दिन में इसका जवाब दाखिल करें। इस सुनवाई के दौरान वरिष्ठ अधिवक्ता सीयू सिंह ने बहस शुरू की। वहीं जमीयत की ओर से वकील CU सिंह ने दलील पेश की। सिंह ने सुप्रीम कोर्ट के जजों के सामने कहा कि उत्तर प्रदेश में विध्वंस की कार्यवाही चल रही है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकार को अपनी आपत्तियां दर्ज करने के लिए समय मिलेगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब किसी को शिकायत होती है तो उसे हल करने का अधिकार होता है। इस तरह के विध्वंस केवल अधिनियम के अनुसार हो सकते हैं। मामले की सुनवाई अगले हफ्ते होगी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 June 2022

पीएम मोदी पहुंचे धर्मशाला

  पहली बार पीएम धर्मशाला में   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय दौरे पर धर्मशाला पहुंचे। जहां उन्हे लेने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर मौजूद रहे । इसके बाद पीएम मोदी ने खुली जीप में सवार होकर रोड शो किया। हिमाचली टोपी पहने पीएम मोदी का स्थानीय लोगों ने पूरे उत्साह और गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। पूरे रोड शो के दौरान लोगों ने रास्ते भर फूल बरसाये और नारे लगाये। पीएम मोदी ने भी हाथ हिलाकर लोगों को अभिवादन स्वीकार किया। आपतो बता दें कि प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी तीसरी बार धर्मशाला पहुंचे हैं। पीएम मोदी धर्मशाला में 16 और 17 जून को राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों के राष्ट्रीय सम्मेलन की अध्यक्षता करेंगे। वैसे ये पहली बार है, जब कोई प्रधानमंत्री धर्मशाला में ठहर रहा हो। ऐसे में प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये हैं। पीएम मोदी केठहरने और कार्यक्रम स्थल के आसपास 2300 पुलिस जवान तैनात किए हैं। साथ ही धर्मशाला में प्रवेश करनेवाले सभी वाहनों की सख्ती से जांच की जा रही है। पीएम मोदी के आने पर लोगों में काफी ख़ुशी का माहौल है। यह पहली बार ऐसा मौका आया है जब देश का पीएम धर्मशाला में रुका है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 June 2022

अग्निपथ योजना का राज्यों में विरोध

  ट्रेनों सरकारी संपत्ति को पहुंचाया नुकसान    केंद्र की अग्निपथ योजना का बिहार सहित कई  राज्यों में विरोध शुरू हो गया है।   बिहार से शुरू हुआ विरोध अब  यूपी, हरियाणा, उत्तराखंड और राजस्थान पहुंचा गया है। युवाओं के उग्र प्रदर्शन की खबरें सामने आ रही है। सेना में केवल चार सालों की भर्ती योजना को लेकर छात्रों में खासा आक्रोश है। ये प्रदर्शन कई शहरों में फैल गया और मुख्य तौर पर रेलवे की संपत्ति को निशाना बनाया जा रहा है। प्रदर्शन की वजह से रेलवे ने 22 ट्रेनें कैंसिल कर दी हैं और यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बिहार में बीजेपी नेताओं और उनके ऑफिसों को भी निशाना बनाया जा रहा है। बिहार के कैमूर में छात्रों ने इंटरसिटी एक्सप्रेस को आग के हवाले कर दिया और कई जगहों पर टायरों में आग लगाकर सड़क जाम कर दिया है। आरा स्टेशन पर पथराव की वजह से यात्रियों में भगदड़ मच गई। इसमें कई यात्रियों के घायल होने की सूचना है। उपद्रवियों ने छपरा में ट्रेन में आग लगा दी।  बक्सर में उग्र छात्रों ने डुमराव रेलवे स्टेशन पर आगजनी की और सुविधा एक्सप्रेस के एसी बोगी के शीशे तोड़ डाले। नवादा में युवाओं ने प्रजातंत्र चौक पर चक्का जाम कर दिया और केजी रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन बाधित किया। आपको बता दें अग्निपथ योजना के तहत चार साल के लिए सेना में भर्ती की जाएगी।  उसके बाद रिटायर कर दिया जायेगा।  हालाँकि 25 प्रतिशत अच्छा प्रदर्शन करने वालों को आगे के लिए रखा जायेगा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 June 2022

5 G सर्विस लांच की मंजूरी

  10 गुना होगी नेता की स्पीड  मोबाइल और नेट उपभोक्ताओं के लिए बड़ी और महत्वपूर्ण खबर है।  भारत में 5G सर्विस की शुरुआत के लिए कदम बढ़ा दिए गए हैं।  बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केन्द्रीय कैबिनट की बैठक में 5G स्पेक्ट्रम के ऑक्शन को मंजूरी मिल गई है। कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम 5G के लिए स्पेक्ट्रम बैंड को आवंटित कर सकेगा। जुलाई के अंत तक 5G स्पेक्ट्रम बैंड की नीलामी प्रक्रिया पूरी हो  जाएगी।  दो-तीन महीनों में तीनों प्राइवेट टेलीकॉम कंपनियां रिलायंस , एयरटेल , वोडाफोन , बीएसएनएल 5G सर्विस शुरू कर सकते हैं। दूरसंचार मंत्रालय इसी सप्ताह से इच्छुक दूरसंचार कंपनियों से आवेदन पत्र मांगेगा। इसके लिए स्पेक्ट्रम की कीमत 5 लाख करोड़ रखी गई है। टेलीकॉम कंपनियों को राहत देते हुए सरकार ने स्पेक्ट्रम के लिए एडवांस पेमेंट की आवश्यकता को खत्म कर दिया है। 5G सर्विस शुरू होने के बाद इंटरनेट की स्पीड मौजूदा 4G के मुकाबले 10 गुना फास्ट हो जाएगी। साथ ही कनेक्टिविटी भी बेहतर होगी। स्पेक्ट्रम की नीलामी होने के कुछ महीनों बाद टेलीकॉम कंपनियां सर्विस शुरू कर सकती हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 June 2022

टीएमसी बैठक में नहीं पहुंचे बहुत से दल

  शरद पवार ने राष्ट्रपति चुनाव लड़ने से मना किया    राजनीतिक दलों में नए राष्ट्रपति के नाम के लिए मंथन शुरू कर दिया है। विपक्ष दल जहां राष्ट्रपति पद के लिए अपने उम्मीदवार के नाम पर विचार रहा है।  इसके लिए विपक्ष ने बैठक का आयोजन करने की बात कही है। वहीं भाजपा ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं। तृणमूल कांग्रेस  प्रमुख ममता बनर्जी ने संयुक्त राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार पर विचार करने के लिए बैठक बुलाई , लेकिन इस बैठक में  शरद पवार ने राष्ट्रपति चुनाव लड़ने से मना कर दिया है क्योंकि विपक्ष दलों के पास पर्याप्त वोटों की संख्या नहीं है। वहीं  आम आदमी पार्टी और टीआरएस ने भी बैठक में भाग नहीं लिया।   ओडिशा की बीजू जनता दल भी इस बैठक से किनारा करने की संभावना है।  ममता बनर्जी की ओर से बुलाई गई इस बैठक से नाराज भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी-मार्क्सवादी और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने शामिल होने से इनकार किया है। माकपा महासचिव सीताराम येचुरी और भाकपा महासचिव डी राजा ने कहा कि शीर्ष नेतृत्व TMC प्रमुख द्वारा बुलाई गई बैठक में शामिल नहीं होगा। उन्होंने कहा कि इस बैठक को सभी के साथ चर्चा करने के बाद बुलाना चाहिए था। वहीं सीताराम येचुरी ने कहा, 'हालांकि, इस मामले में हमें एकतरफा पत्र मिला है जिसमें तारीख, समय, स्थान और एजेंडा का ब्यौरा दिया गया है। शरद पवार के  अब विपक्ष अन्य नाम पर विचार कर सकता है।  लेकिन विपक्ष के पास अभी भी नंबर नहीं है। और अन्य दलों के किनारा करने से ये खाई बहरति दिख नहीं रही है।  वहीँ एमपी में तीन विधायक बीजेपी में शामिल हो गए हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 June 2022

नेशनल हेराल्ड मामले में राहुल गांधी से पूछताछ

  ईडी के ऑफिस के बाहर कांग्रेस नेताओं का प्रदर्शन    नेशनल हेराल्ड मनी लॉन्ड्रिंग मामले में राहुल गांधी प्रवर्तन निदेशालय जवाब दे रहे हैं। लेकिन बताया जा रहा है कि अभी प्रवर्तन निदेशालय जवाब से संतुष्ट नहीं है। राहुल गांधी से आज तीसरे दिन भी दूसरी प्रवर्तन निदेशालय के ऑफिस में पूछताछ जारी है। पूछताछ को लेकर ईडी के ऑफिस के बाहर कई कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया है कि राहुल गांधी को भाजपा झूठे आरोप में फंसा रही है और गांधी परिवार को बदनाम करने की साजिश रची है। वहीं इस मामले में आरोप प्रत्यारोप का दौर भी चल रहा है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा, मोदी सरकार और दिल्ली पुलिस अब गुंडागर्दी पर उतर आई है।  AICC के कार्यालय में घुस कर कार्यकर्ताओं और नेताओं को मारना पीटना संयम की सब हदें पार कर गई है। दिल्ली पुलिस के कठपुतली अधिकारी भी जान लें कि ये याद रखा जाएगा।  ईडी ने अभी तक राहुल गांधी से कुल 21 घंटे तक पूछताछ की है। मंगलवार को 11 घंटे से ज्यादा पूछताछ करने के बाद आज फिर से बुलाया है। राहुल गांधी से ईडी ने बैंक खाते समेत कई बातों को लेकर पूछताछ की। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदर्शन करते रहे। दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस कार्यालय के आसपास के इलाके में धारा 144 लगा दी है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 June 2022

तीन मुफ्त रसोई गैस सिलेंडर मिलेंगे

  गोवा सरकार का बीपीएल कार्ड को लाभ    गोवा सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। जून के अंत तक गरीबी रेखा से नीचे लोगों को तीन मुफ्त रसोई गैस सिलेंडर दिया जायेगा।  ग्रामीण विकास एजेंसी मंत्री गोविंद गौडे ने जानकारी दी और बताया कि बीजेपी के नेतृत्व वाली गोवा सरकार ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में बीपीएल को फ्री एलपीजी सिलेंडर उपलब्ध कराने का वादा किया था। जिन परिवारों की कुल वार्षिक इनकम 4 लाख से कम है। वे इस योजना के अंतर्गत आएंगे। उन्होंने कहा किन इस पहल के तहत 37 हजार परिवारों को कवर किया जाएगा। जिसमें पैसा चालू वित्त वर्ष के अंत में सीधे उनके बैंक अकाउंट में जमा किया जाएगा। गौडे ने कहा, ''हम जांच करेंगे कि लोगों ने कितने सिलेंडर लिए हैं। आमतौर पर हर परिवार को प्रति वर्ष छह सिलेंडर की आवश्यकता होती है। हम तीन सिलेंडरों के लिए उनके पैसे की प्रतिपूर्ति करेंगे। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के लाभार्थियों को 200 रुपए प्रति गैस सिलेंडर की सब्सिडी दी जाएगी। केंद्र ने रसोई गैस सब्सिडी को केवल 9 करोड़ गरीब महिलाओं और अन्य लाभार्थियों तक सीमित कर दिया है। जिन्हें उज्जवला योजना के तहत एलपीजी कनेक्शन मिला था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 June 2022

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की प्रेस कॉन्फ्रेंस

  अग्निवीरों की भर्ती के लिए अग्निपथ योजना शुरू भारतीय सेनाओ को विश्व की बेहतरीन सेना बनाने के लिएआज सुरक्षा संबंधी कैबिनेट कमेटी ने एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है।रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आज सेना में अग्निवीरों की भर्ती के लिए अग्निपथ योजना शुरू करने का ऐलान किया। राजनाथ सिंह ने बताया कि इस योजना के तहत अग्निवीरों को शानदार वेतन के साथ अन्य कई लाभ दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि भारतीय सेनाओ को विश्व की बेहतरीन सेना बनाने के लिएआज सुरक्षा संबंधी कैबिनेट कमेटी ने एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है। हम अग्निपथ नामक एक योजना ला रहे हैं जो हमारी सेना में परिवर्तनकारी बदलाव कर उन्हें पूरी तरह से आधुनिक और सुसज्जित बनाएगी।  हम अग्निपथ नामक एक योजना ला रहे हैं जो हमारी सेना में परिवर्तनकारी बदलाव कर उन्हें पूरी तरह से आधुनिक और सुसज्जित बनाएगी। इस भर्ती से सेना को और मजबूती मिलेगी। देश हित में यह बहुत बड़ा निर्णय है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 June 2022

प्रधानमंत्री मोदी महाराष्ट्र दौरे पर पहुंचे

  पीएम मोदी सीएम उद्धव ठाकरे दिखेंगे साथ  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  महाराष्ट्र के एक दिवसीय दौरे पर हैं। जहां वे राज्य में कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे।  पुणे पहुंचने पर डिप्टी सीएम अजीत पवार ने उनका स्वागत किया। पुणे में पीएम मोदी ने देहु क्षेत्र में स्थित जगतगुरु श्रीसंत तुकाराम महाराज मंदिर का उद्घाटन किया और पूजा-अर्चना की। पीएम मोदी आज कई धार्मिक कार्यक्रम से लेकर कई उद्घाटन समारोह में हिस्सा लेंगे। इस दौरान कई कार्यक्रमों में राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक मंच पर नज़र आएंगे। प्रधानमंत्री मोदी मुंबई के जल भूषण इमारत और राज भवन स्थित क्रांतिकारियों की याद में बनाये गए गैलरी का उदघाटन करेंगे। क्रांतिकारी गैलरी ये महाराष्ट्र के सैनिकों और क्रांतिकारियों की स्मरण में बनाया गया है।  ये इस तरह यह पहला संग्रहालय है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे , महाराष्ट्र सरकार के कई मंत्री और सभी दलों के नेता भी इस कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे।शामिल रहेंगे।  आपको बता दें कि एक लंबे अरसे के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और प्रधानमंत्री मोदी एक साथ होंगे। वहीं इस मौके पर राजनीति को लेकर भी कयास लगाए जा रहे हैं।  क्या पीएम मोदी और उद्धव ठाकरे केवल कार्यक्रम को लेकर एक   साथ होंगे  ... या भी इस पर आगे भी कुछ देखने को मिलेगा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 June 2022

दंगाइयों पर उप्र पुलिस की सख्त कार्रवाई

  प्रशासन ने की बड़ी कार्रवाई अखिलेश न खुश  पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ अभद्र टिप्पणी मामले में जगहों पर उत्तरप्रदेश में दंगाइयों ने हिंसा की।  जिसको लेकर अब प्रशासन ने दंगाइयों पर कार्रवाई शुरू की। आपको बता दें झारखंड है जहां 3 लोगों की मौत के बाद भी अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।  लेकिन उत्तरप्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार में  दंगाइयों के खिलाफ जो कार्रवाई हो रही है, उसकी देशभर में तारीफ की जा रही है। ताजा मामला लखनऊ का है जहां पुलिस लॉकअप में दंगाइयों को सबक सीखा रही है। हिंसा फैलाने, सरकारी सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने, धार्मिक उन्माद फैलाने वालों को डंडे मारे जा रहे हैं। यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। भाजपा ने इसे दंगाइयों को यूपी पुलिस का रिटर्न गिफ्ट करार दिया है। लेकिन  दंगाइयों पर कार्रवाई को लेकर अखिलेश यादव खुश नहीं है। उन्होंने उत्तर प्रदेश के पुलिसकर्मियों द्वारा लॉक-अप में लाठियों से पीटने को विपक्ष ने 'हिरासत में यातना' करार दिया है। इस वीडियो ने राजनीतिक तूफान खड़ा कर दिया है। सोशल मीडिया पर जारी वीडियो में दो पुलिसकर्मियों को कुछ लोगों की पिटाई करते देखा जा सकता है।  जो की माना जा रहा है की हिंसा फैलाने वाले और दंगाई हैं।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 June 2022

हेट स्पीच मामले में FIR की याचिका खारिज

अनुराग ठाकुर ,परवेश वर्मा के खिलाफ थी याचिका    हेट स्पीच मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर और बीजेपी सांसद परवेश वर्मा के खिलाफ एफआईआर याचिका को खारिज कर दिया है । माकपा नेता वृंदा करात ने यह याचिका दायर की थी। याचिका में भाजपा नेताओं के खिलाफ कथित तौर पर सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान नफरत भरे भाषण देने के लिए केस दर्ज करने की मांग की गई थी। गौरतलब है कि अगस्त 2021 में ट्रायल कोर्ट ने इस आधार पर शिकायत को खारिज कर दिया था। यह टिकाऊ नहीं है क्योंकि सक्षम प्राधिकारी, केंद्र सरकार से अपेक्षित मंजूरी प्राप्त नहीं हुई थी। सोमवार को दिल्ली न्यायालय ने सहमति व्यक्त की। कहा कि इस तरह की याचिका पर विचार करने से पहले सरकार से मंजूरी आवश्यक है। कोर्ट बिना इजाजत के जांच का आदेश नहीं दे सकती है। निचली अदालत के आदेश को बरकार रखते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि रिट याचिका सुनवाई योग्य थी। कानून की स्थापित स्थिति के साथ प्रभावी वैकल्पिक उपाय के अस्तित्व पर न्यायिक फैसलों को देखते हुए उसपर विचार नहीं किया जा सकता था। कोर्ट ने कहा, याचिकाकर्ताओं के पास रिट याचिका दायर करने के बजाय वैकल्पिक कानूनी उपाय हैं। इस मौके पर अदालत ने सलाह देते हुए कहा कि उच्च पदों पर आसीन लोग खुद जिम्मेदारी को समझे।  उनको समाज का आदर्श बनाना है। जिम्मेदारी के साथ आचरण करें 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 June 2022

कोरोना के देश में बढ़े आंकड़े

  दिल्ली में कोरोना के 2247 सक्रिय केस   कोरोना वायरस के मामले बढ़ने लगे हैं। दिल्ली समेत बड़े शहरों में मामलों में बढ़ोतरी हुई है। प्रतिदिन आने वाले मामलों में तेजी दिखाई दे रही है। वहीं महाराष्ट्र में प्रतिदिन दो हजार से ज्यादा नए केस सामने आ रहे हैं। दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटों में राजधानी में कोविड-19 के 795 नए मामले दर्ज किए गए। वहीं 556 लोग रिकवर हुए हैं। किसी की मौत नहीं हुई है। दिल्ली में कोरोना वायरस के 2247 सक्रिय केस हैं। मृत्यु दर 4.11 फीसद रही। राजधानी में अभी तक 19,12,063 केस दर्ज हुए हैं। 18,83,598 मरीज स्वस्थ्य हो गए हैं। अब तक 26,218 मरीजों का निधन हुआ है। महाराष्ट्र में रविवार को 2946 नए केस सामने आए। 1432 मरीज रिकवर हुए हैं। वही दो मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में 16,370 सक्रिय मामले हैं। इस बीच देश में कोरोना महामारी में वृद्धि देखी जा रही है। शनिवार को नए केस की संख्या आठ हजार के आंकड़े को पार कर गई। बढ़ते मामलों को देखते हुए सतर्कता बरतने की जरूरत है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 June 2022

नेशनल हेराल्ड केस में ED के सामने पेश हुए राहुल गांधी

  विरोध कर रहे कांग्रेसियों को गिरफ्तार किया गया  नेशनल हेराल्ड केस में ED के सामने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पेश हुए जहां उनसे पूछताछ जारी है। ED के अफसर उनसे सवाल कर रहे हैं।  कांग्रेस ने इस मामले को लेकर विरोध जताया है। सुबह से पार्टी के कार्यकर्ताओं ने दिल्ली मे जगह-जगह राहुल के पोस्टर लगा दिए थे। जिस पर लिखा था- ये राहुल गांधी है, झुकेगा नहीं। देश के कई  हिस्सों में पार्टी कार्यकर्ता धरना दे रहे हैं। सुबह राहुल प्रियंका गांधी के साथ गाड़ियों में घर से कांग्रेस मुख्यालय के लिए निकले। यहां भारी तादाद में कांग्रेस कार्यकता मौजूद थे। राहुल-प्रियंका ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंग की। जिसके बाद वे ED दफ्तर के लिए निकले। कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पार्टी मुख्यालय से ED ऑफिस तक मार्च किया। कई नेताओं को पुलिस ने ED ऑफिस से एक किलोमीटर पहले ही रोक दिया। इस दौरान जमकर हंगामा भी हुआ, कांग्रेस कार्यकर्ता पुलिस से भिड़ गए। कई नेताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। दिल्ली पुलिस ने मल्लिकार्जुन खड़गे, जयराम रमेश, मुकुल वासनिक, दिग्विजय सिंह, दीपेंद्र हुड्डा, पवन खेड़ा, पीएल पूनिया, गौरव गोगोई, मीनाक्षी नटराजन सहित कांग्रेस नेताओं को हिरासत में लिया। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और कांग्रेस सांसद रणदीप सिंह सुरजेवाला समेत कई नेता शामिल हैं। प्रियंका गांधी ने पुलिस स्टेशन पहुंचकर सभी नेताओं से मुलाकात की।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 June 2022

रांची हिंसा में बाहर से आये थे लोग

  पुलिस ने जांच के साथ तलाश शुरू की    मुस्लिम धर्म के पैगंबर मोहम्मद पर भाजपा नेता नूपुर शर्मा की  विवादित टिप्पणी को लेकर  रांची में 10 जून को हिंसा  हुई थी। इस मामले में अब नया मोड़ आया है। बताया जा रहा है कि यूपी के सहारनपुर से 12 लोगों की टीम चार और सात जून को रांची पहुंची थी। 10 जून को शहर के कई इलाकों में प्रदर्शन और हिंसक घटनाएं हुई थी।  जिसके बाद से पूरे इलाके में धारा 144 लागू है। हर कोने में भारी संख्या में पुलिस की तैनाती की गई थी । अफवाहों को रोकने के लिए इंटरनेट बंद रहा। बताया जा रहा है की उपद्रव के लिए लोगों को भड़काया गया था।  हिंसा के पीछे एक झामुमो कार्यकर्ता और पानी व्यवसायी का नाम आ रहा है। कार्यकर्ता से पुलिस ने पूछताछ भी की है। मामले  को लेकर बाहर से दंगाइयों के आने की संभावना बताई जा रही है।  पुलिस पूरे मामले में जांच कर रही है।  सभी  दंगाइयों की तलाश जारी है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 June 2022

प्रयागराज हिंसा के बाद प्रशासन की कार्रवाई

  मास्टरमाइंड जावेद  के घर चला बुलडोजर    प्रयागराज में हुई के बाद अब प्रशासन ने कार्रवाई शुरू कर दी है।  हिंसा के मास्टरमाइंड जावेद उर्फ पंप के घर को जमींदोज कर दिया गया है। प्रशासन ने करीब साढ़े चार घंटों तक कार्रवाई की। 3 बुलडोजर और पोकलैंड मशीन से जावेद के मकान को तोड़ दिया गे। हालांकि  बुलडोजर चलाने से पहले घर के कुछ सामान को हटाने की इजाजत दी गई। उधर हिंसा मामले में  प्रयागराज पुलिस ने अटाला मस्जिद के इमाम अली अहमद को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने सुरक्षा के इंतजाम कड़े किए है । इस मौके पर घर के बाहर फायर ब्रिगेड और एंबुलेंस भी मौजूद रही। पुलिस को घर में झंडा लगे हुए कुछ डंडे मिले हैं। सुरक्षा के लिए करीब 10 हजार पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई थी। आपको बता दें  प्रयागराज हिंसा के बाद अब तक 304 दंगाई गिरफ्तार हो चुके हैं। अभी 36 और उपद्रवियों के घरों पर बुलडोजर चलेगा। दंगाइयों ने जुमे की नमाज के बाद हिंसा की थी। जिसके बाद मुरादाबाद में प्रशासन बुलडोजर के साथ दंगाइयों के घर पहुंचा। पुलिस अटाला, करैली और आसपास के  इलाकों में लगातार नजर बनाए हुए है।  दंगाइयों की सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद गायब हैं।  पुलिस सभी की तलाश कर रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 June 2022

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की तबियत बिगड़ी

  दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल में भर्ती    कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी कोरोना हुआ है। जिसके चलते उनकी तबीयत बिगड़ गई है। समस्या बढ़ने के बाद उन्हें रविवार सुबह दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल में भर्ती कराया गया है ।कांग्रेस  पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने जानकारी देते हुए बताया कि उनकी हालत स्थिर है। उन्हें कुछ दिन डॉक्टरों की निगरानी में रखा जाएगा। गौरतलब है कि नेशनल हेराल्ड केस में प्रवर्तन निदेशालय  ने सोनिया गांधी और उनके बेटे राहुल गांधी को समन जारी किया है। कोरोना होने के कारण सोनिया गांधी 8 जून को पेश नहीं हुई हुई  थीं। अब उन्हें 23 जून की तारीख दी गई है। वहीं राहुल गांधी इस मामले में कल ईडी  13 तारिख को पेश होंगे।  हालाँकि इस मामले में सियासत जारी है।  कांग्रेस ने कल शक्ति प्रदर्शन करने की बात कही है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 June 2022

महाराष्ट्र में कोरोना के 3081 नए मामले

  मुंबई में 1956 नए मामले सामने आए महाराष्ट्र एक बार फिर देश में कोरोना का हॉटस्पॉट बनता जा रहा है। यहां  कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते जा रहे हैं।  राज्य में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3081 नए मामले सामने आए हैं। राहत की बात ये है कि राज्य में एक भी मरीज़ की मृत्यु  नहीं हुई है। प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 13 हजार 329 है। मुंबई में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1956 नए मामले सामने आए हैं।  शहर में इस दौरान 763 मरीज ठीक हुए हैं।  सिर्फ मुंबई में एक्टिव केस यानी इलाज करा रहे लोगों की संख्या 9191 है।   23 जनवरी के बाद से संक्रमण में सबसे अधिक मामले आये हैं । जो अब सोचने का विषय बना हुआ है।  पॉजिटिविटी रेट लंबे समय के बाद 10 प्रतिशत के निशान से ऊपर चली गई है। यह 12.74 प्रतिशत पर पहुंच गई। गुरुवार को यह 9.64 फीसदी थी। मुंबई में गुरुवार को भी 1,702 नए मामले सामने आए थे। शासन ने लोगों को सावधान रहने और मास्क लगाने की सलाह दी है। वहीं लोगों को बढे मामलों को लेकर हिदायत भी दी जा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 June 2022

राजस्थान में कांग्रेस को मिली तीन सीट

  सीएम गहलोत ने कहा यह लोकतंत्र की जीत राजस्थान में राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस को बड़ी कामयाबी मिली । यहां कांग्रेस ने 3  सीटें हासिल कर ली हैं। राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने तीन सीटों के लिए मुकुल वासनिक, प्रमोद तिवारी और रणदीप सुरजेवाला को उम्मीदवार बनाया था।  परिणाम आये तो बीजेपी को निराशा हाथ लगी।  उसके खाते में मात्र 1 ही सीट आई। वहीं कांग्रेस के तीनों उम्मीदवार जीत गये। राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रणदीप सुरजेवाला को 43 वोट मिले, जबकि मुकुल वासनिक को 42 वोट और वहीं घनश्याम तिवारी को 43 वोट मिले। वहीं प्रमोद तिवारी को 41 और डॉ. सुभाष चंद्रा के खाते में 30 वोट ही आए। चुनाव में तीन सीटें जीतने के बाद कांग्रेस खेमे में खुशी का माहौल है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, राजस्थान में राज्यसभा की तीन सीटों पर कांग्रेस की जीत लोकतंत्र की जीत है। वहीं इस मौके पर भाजपा में निराशा हुई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 June 2022

रांची में फिर हिंसक प्रदर्शन

  पुलिस प्रदर्शनकारियों पर सख्त पैगंबर मोहम्मद पर  नूपुर शर्मा की आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद शुक्रवार को जुमे की नमाज के कई  शहरों में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुए। नमाज के बाद बाहर निकल रहे लोगों ने कानून अपने हाथ में ले लिया। और  पत्थरबाजी कर  सरकारी और निजी संपत्ति को भारी नुकसान पहुंचाया।  यूपी के विभिन्न शहरों के साथ ही राजधानी दिल्ली में भी अधिकांश स्थानों पर पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया है।  वीडियो फुटेज के आधार पर अन्य संदिग्धों की पहचान की जा रही है।  शनिवार को पुलिस की सख्ती नजर आएगी। झारखंड के रांची में धारा 144 लागू है। यहां इंटरनेट बंद है। वहीं पश्चिम बंगाल के हावड़ा में शनिवार को भी विरोध प्रदर्शन हो रहा है। भीड़ ने धारा 144 का उल्लंघन करते हुए पुलिस पर पत्थर बरसाए। उलुबेरिया-सब डिवीजन, हावड़ा के अधिकार क्षेत्र के तहत राष्ट्रीय राजमार्गों और रेलवे स्टेशनों के हिस्सों में और उसके आसपास धारा 144 सीआरपीसी 15 जून तक बढ़ा दी गई है। बयान को लेकर जहाँ बीजेपी ने प्रवक्ता को हटा दिया है।  वहीं विवाद अब भी थमता नजर नहीं आ रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 June 2022

प्राइवेट सेक्टर के बैंकों ने बढ़ाई ब्याज दरें

  बैंकों से लोन लेना पड़ेगा महंगा    रिजर्व बैंक की ओर से लोन महंगा करने के बाद अभी तक प्राइवेट सेक्टर के कई बैंक ब्याज दरें बढ़ा रहे हैं। ICICI बैंक ने बेंचमार्क लैंडिंग रेट  को 0.50 फीसदी बढ़ा कर 8.60 प्रतिशत महंगा कर दिया है। आईसीआईसीआई बैंक ने बताया है कि एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट की बढ़ी दर 8 जून से लागू हो चुकी है। ICICI बैंक के अलावा भी कई अन्य दिग्गज बैंक ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर चुकी है। HDFC बैंक ने भी हाउसिंग लोन के बेंचमार्क रिटेल प्राइम लेंडिंग रेट (RPLR) को बढ़ा दिया है। HDFC लिमिटेड के एडजस्टेबल रेट होम लोन्स  इसी रेट पर बेस्ड होते हैं। HDFC बैंक ने ब्याज दरों में 0.50 फीसदी बढ़ोतरी की है। एचडीएफसी हैं की ब्याज दरें आज 10 जून से प्रभावी हो जाएगी। इंडियन ओवरसीज बैंकउधर बैंक ऑफ बड़ौदा ने बड़ौदा रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट को बढ़ाकर 7.40 प्रतिशत कर दिया है। इसमें 4.90 प्रतिशत हिस्सा RBI के रेपो रेट का है। बैंक ने 2.50 फीसदी मार्क अप जोड़ा है, बैंक ऑफ बड़ौदा ने कहा है कि नई ब्याज दरें 09 जून से प्रभावी होगी। पंजाब नेशनल बैंक की बात करें तो  रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट को बढ़ा कर 7.40 प्रतिशत कर दिया गया है। इसकी  बढ़ी ब्याज दरें भी 09 जून प्रभावी होगी। इंडियन ओवरसीज बैंक ने भी एक रेगुलेटरी फाइलिंग में ब्याज दरें बढ़ाने का ऐलान किया है।इंडियन ओवरसीज बैंक  ने कहा है कि रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट को बढ़ाकर 7.75 फीसदी कर दिया गया है। इसमें 4.90 फीसदी रेपो रेट और 2.85 फीसदी मार्जिन शामिल किया गया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 June 2022

जुमे की नमाज के बाद पथराव

  पुलिस ने स्थिति को किया काबू  उत्‍तर प्रदेश के में जुमे की नमाज के चलते धारा 144 लागू की गई है।  प्रदेश में पुल‍िस अलर्ट मोड पर है । लेकिन  प्रयागराज में जुमे की नमाज़ के बाद पुलिस पर पथराव की खबरे सामने आई है। खुल्दाबाद थाना क्षेत्र के अटाला इलाके में मुस्लिम समुदाय के लोगों पुलिस झड़प की और  पथराव  किया।  सख्‍ती के बाद   पत्थरबाज भाग खड़े हुए। लेकिन उसके बाद वापस पथराव किया गया।  वाहनों पर भी पथराव किए गए। स्थिति को कंट्रोल करने के लिए  पुलिस ने आसू गैस के गोले छोड़े। आपको बता दें  हर संवेदनशील इलाकों और मुस्लिम बाहुल्‍य क्षेत्रों में पुलिस, पीएसी और आरएएफ तैनात थी। पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी भी लगातार मानीटरिंग कर रहे थे।  और मोहल्‍लों में जाकर शांति का संदश दे रहे थे। पुलिस को कानपुर, लखनऊ, बरेली, वाराणसी, मथुरा सह‍ित अन्‍य संवेदनशील ज‍िलों में  सख्‍त न‍िर्देश द‍िए गए हैं। पुलिस धर्म गुरुओं से बात भी कर रही है और अराजकतत्वों पर नजर रख रही है। कोई भी गड़बड़ी करेगा उसके खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जाएगी। एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि माहौल खराब करने वालों से सख्ती से निपटने के लिए कहा है।  अराजकतत्वों उपद्रवियों पर  नजर रखी जा रही है। सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डालने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश हैं । पूरे प्रदेश में इसके अलावा 61 संवेदनशील स्थान चिह्नित किए गए हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 June 2022

राज्यसभा चुनाव को लेकर घमासान जारी

  महाराष्ट्र, कर्नाटक, हरियाणा राजस्थान में वोटिंग      राज्यसभा चुनाव को लेकर वोटिंग के साथ घमासान जारी है। महाराष्ट्र, कर्नाटक, हरियाणा और राजस्थान की 16 सीटों के लिए मतदान जारी है। वहीं शाम 5 बजे से मतगणना शुरु होगी।  महाराष्ट्र में 6 सीटें, हरियाणा  2 सीटें, राजस्थान 4 सीटें और कर्नाटक 4 सीटें है।  इनमें से 4 सीटों पर क्रॉस वोटिंग व विधायकों की खरीद-फरोख्त पर चर्चाओं का बाजार गर्म है। राज्यसभा के लिए 15 राज्यों की 57 सीटों में से 41 पर उम्मीदवार पहले ही निर्विरोध निर्वाचित हो गए हैं। वहीं अब कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री HD कुमारस्वामी ने हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाया है।  कुमारस्वामी ने कहा  सीटी रवि भाजपा नेता हैं और पार्टी में महासचिव के पद पर हैं तो फिर कांग्रेस ऑफिस में क्या कर रहे हैं?  उन्होंने कहा कांग्रेस नेता सिद्धारमैया JDS के विधायकों पर दबाव बना रहे हैं कि खुद की पार्टी को वोट मत दो। वहीं हरियाणा के निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू ने आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि वह कार्तिकेय शर्मा या किसी अन्य विधायक के लिए वोट नहीं करेंगे। बलराज कुंडू ने कहा कि मैं वोट नहीं दूंगा और हरियाणा के लोगों के साथ खड़ा रहूंगा। उन्होंने आरोप लगाया कि मंडी में विधायकों को खरीदा-बेचा जा रहा है, मुझे कई ऑफर आए लेकिन कोई मुझे खरीद या धमका नहीं सका। राजस्थान की बात करें तो भाजपा विधायक शोभारानी कुशवाह का वोट खारिज हो गया है। शोभारानी धौलपुर से विधायक है। इस मामले में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा है कि मतगणना के समय वोट की वैधता तय की जाएगी।  विधायक राजेंद्र राठौड़ और गोविंद डोटासरा में तीखी बहस भी हुई, गढ़ी सीट से MLA राजेंद्र राठौड़ BJP के पोलिंग एजेंट को अपना वोट दिखाया था। इस बीच गोविंद सिंह डोटासरा ने दावा किया कि उन्होंने भी कैलाश मीणा का वोट देखा है। इस बात पर दोनों नेताओं में अनबन शुरु हो गई। इसके अलावा राजस्थान में ही भाजपा विधायक कैलाश मीणा के वोट पर भी विवाद की स्थिति निर्मित हो गई थी। महाराष्ट्र में राज्यसभा चुनाव के दौरान बड़ा उलटफेर देखने को मिला है। महाराष्ट्र में सहयोगी दल शिवसेना और NCP वोटिंग पैटर्न को लेकर भिड़ गए।  राजस्थान में हॉर्स ट्रेडिंग की आशंका के चलते विधायकों को रिसोर्ट में रखा गया था। फिलहाल सभी विधायक वोट देने पहुँच चुके है।     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 June 2022

कानपुर हिंसा के बाद धारा-144 लागू

52 दिनों के लिए लागू की गई , प्रशासन सख्त    कानपुर हिंसा के बाद जुमे के एक दिन पहले  धारा-144 लागू कर दी गई है। धारा 144  , 52 दिनों के लिए लागू की गई है। आपको बता दें कानपुर में 3 जून को हिंसक घटनाएं हुई थी।  जिसपर  प्रशासन ने सख्त कार्रवाई की है। उपद्रवियों को गिरफ्तार किया जा रहा है ।  40 लोगों का एक पोस्टर भी जारी किया गया है। गौरतलब है कि कानपुर हिंसा मामले में अब तक पुलिस ने 55 आरोपियों को पकड़ा है।  हिंसा के मास्टरमाइंड हयात जफर की रिमांड पर 10 जून को कोर्ट फैसला सुनाएगा। आपको बताते चलें की कानपुर में 3 जून  को हिंसा हुई थी।  भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा के विवादित बयान के बाद  मुस्लिम समुदाय के लोग नाराज थे। सद्भावना चौकी के पास बाजार बंद करा रहे थे। तभी दो समुदाय के लोग आमने-सामने आ गए, जिसके बाद पथराव हुआ। मुस्लिम संगठनों ने बाजार बंद का आह्वान भी किया। पुलिस ने किसी भी इलाके में लोगों को नमाज के बाद प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी थी। हालांकि लोग सड़कों पर निकल आए थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 June 2022

कुतुब मीनार में सुनवाई 27 अगस्त को

हिन्दू पक्ष ने मांगी पूजा करने की अनुमति    दिल्ली के ऐतिहासिक कुतुब मीनार में हिन्दू संगठन ने पूजा की अनुमति मांगी है। फिलहाल इस मुद्दे पर  साकेत कोर्ट में सुनवाई टल गई है। अब 27 अगस्त को सुनवाई होगी। हिंदू पक्ष की ओर से मांग थी कि वे केवल पूजा करने का अधिकार चाहते हैं।  एएसआई ने एक हलफनामे केजरिये  स्पष्ट कर दिया था कि पूजा नहीं की जा सकती है।  कुतुब मीनार को 1993 में यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया था। यह परिसर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के संरक्षण में है।  कुतुब मीनार विवाद का यह विवाद उस समय शुरू हुआ जब पूर्व एएसआई अधिकारी ने दावा किया कि कुतुब मीनार राजा विक्रमादित्य ने बनवाई थी।  इतिहास में इसके बारे में गलत पढ़ाया गया है।   धर्मवीर शर्मा ने कहा था कि कुतुब मीनार वास्तव में 5 वीं शताब्दी में गुप्त साम्राज्य के चंद्रगुप्त विक्रमादित्य द्वारा निर्मित एक सन टॉवर था। यह कुतुब मीनार नहीं बल्कि एक सन टॉवर  जो की वेधशाला टॉवर है। इसका झुकाव  25 इंच है। जो कीं  सूर्य को देखने के लिए बनाया गया था। यह विज्ञान और पुरातात्विक तथ्य है। अब इस बात को लेकर विवाद है।  मामला फिलहाल कोर्ट में है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 June 2022

राष्ट्रपति चुनाव 18 जुलाई को होगा

21 तारीख को नये राष्ट्रपति का ऐलान होगा चुनाव आयोग ने  राष्ट्रपति चुनाव को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की और चुनाव की तारीख की घोषणा की।   राष्ट्रपति चुनाव के लिए 15 जून से नॉमिनेशन शुरु होगा।  18 जुलाई को वोटिंग होगी। वोटों की गिनती और आपत्तियों के निराकरण के बाद 21 तारीख को नये राष्ट्रपति का ऐलान होगा।   मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि वोटिंग संसद भवन और विधानसभा में ही होगी। राष्ट्रपति चुनाव के लिए 776 सांसद और 4120 विधायक वोट डाल सकेंगे। राष्ट्रपति चुनाव में कुल 4,809 सदस्य वोट डालेंगे। साथ ही एक मत की वैल्यू 5,43,200 होगी। नॉमिनेशन के लिए 50 प्रस्तावक होने जरुरी हैं। उम्मीदवार खुद या प्रस्तावक के जरिए नामांकन दाखिल कर सकते हैं। इस चुनाव को लेकर कोई भी पार्टी व्हिप जारी नहीं कर सकती। आपको बताते चलें कि मौजूदा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो जायेगा। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 62 के अनुसार, अगले राष्ट्रपति का चुनाव मौजूदा कार्यकाल के खत्म होने से पहले कराया जाना जरूरी है। इसलिए 16वें राष्ट्रपति को 25 जुलाई तक शपथ ग्रहण करना होगा। साल 2017 में चुनाव 17 जुलाई को आयोजित हुए थे, जिनके नतीजे तीन दिन बाद 20 जुलाई को घोषित किए गए थे। राष्ट्रपति का चुनाव संसद के दोनों सदनों के निर्वाचित सदस्यों के चुनावी कॉलेज के सदस्यों और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी समेत सभी राज्यों की विधानसभाओं के निर्वाचित सदस्यों द्वारा किया जाता है। भारत में राष्ट्रपति का चुनाव इलेक्टोरल कॉलेज के जरिए होता है।  जिसमें लोकसभा और राज्यसभा के निर्वाचित सदस्य शामिल होते हैं। इस चुनाव में राज्यसभा या लोकसभा या विधानसभाओं के नामांकित सदस्य मतदान के योग्य नहीं होते हैं और वे चुनाव में भाग नहीं लेते हैं। इसी तरह विधान परिषदों के नामित सदस्य भी राष्ट्रपति चुनाव में मतदाताओं के तौर पर शामिल नहीं होते हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 June 2022

महाराष्ट्र में फिर बढे कोरोना केस

सरकार ने मास्क लगाने की अपील की  महाराष्ट्र में कोविड-19 के 1881 नए केस सामने आने से लोग सख्ते में हैं। एक ही दिन में संक्रमण के नए 81प्रतिशत मामले आये हैं। 18 फरवरी के बाद 7 जून को सबसे अधिक केस दर्ज किए गए हैं। प्रदेश स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि पुणे की 31 वर्षीय महिला को बी.ए.5 का संक्रमण हुआ है। कोरोना वायरस का यह ट्रेंड चिंता में डालता है। वहीं राज्य में कोविड टैली 78,96,114 पर पहुंच गई है। अबतक 1,47,866 लोगों की मौत हुई है।  24 घंटे में 1242 नए केस दर्ज किए गए। 74 मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिसमें 10 मरीज को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी। फिलहाल शहर में 5974 सक्रिय मामले हैं। कोविड के बढ़े केस को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोगों से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने को कहा है। प्रशासन ने सभी से मास्क लगाने और कोरोना के प्रति सजग रहने की  अपील की है।  कोविड पोर्टल के आंकड़ों के अनुसार अब तक कोरोना रोधी वैक्सीन की कुल 194.28 करोड़ डोज लगाई जा चुकी हैं। 101.25 करोड़ पहली, 89.44 करोड़ दूसरी और 3.58 करोड़ बूस्टर डोज शामिल हैं। मुंबई में बढ़ते केस अब डराने लगे हैं।  कोरोना की अब कोई लहार न आये इसके लिए जरूरी है सब सजग रहे।  नितमों का पालन करें।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 June 2022

मोदी कैबिनेट ने किसानों को दी बड़ी राहत

खरीफ की फसलों पर MSP बढ़ाने की मंजूरी    मोदी कैबिनेट ने किसानों को बड़ी राहत दी है। कैबिनेट और सीसीईए  की अहम बैठक में केंद्र सरकार ने खरीफ की फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य  को बढ़ाने की मंजूरी दी है। इस फैसले के बाद साल 2022-23 के लिए खरीफ की फसलों जैसे धान, सोयाबीन, मक्का आदि फसलों का MSP बढ़ जाएगा और किसानों को अपनी फसल की ज्यादा कीमत मिलेगी। माना जा रहा है कि सरकार खरीफ फसलों की एमएसपी में 5 से 20% तक की बढ़ोतरी कर सकती है। आपको बता दें कि फिलहाल 2021-22 के लिए धान का एमएसपी 1940 रुपये प्रति क्विंटल है।  इससे पहले, रसायन और उर्वरक मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा है कि भारत के पास खरीफ के साथ साथ रबी सत्र की उर्वरक की जरूरत को पूरा करने के लिए यूरिया का पर्याप्त स्टॉक है और दिसंबर तक इसका आयात करने की जरूरत नहीं होगी। उन्होंने ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में उर्वरकों की कीमतों में गिरावट आई है और उम्मीद है कि अगले छह माह में इसके दाम और नीचे आएंगे।  कैबिनेट के इस फैसले से किसानो को बड़ी राहत मिली है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 June 2022

ज्ञानवापी के मामले जज को धमकी

इस्लामिक आगाज मूवमेंट के नाम से चिट्ठी    वाराणसी में ज्ञानवापी के मामले जज को धमकी देने का मामला सामने आया है। परिसर के सर्वे का आदेश देने वाले जज को धमकी दी गई  है। इस्लामिक आगाज मूवमेंट के नाम से जज रवि कुमार दिवाकर को रजिस्टर्ड डाक से यह धमकी भरी चिट्‌ठी भेजी गई है। जिसके बाद जज की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।  लखनऊ और वाराणसी में बने घर की सुरक्षा के लिए 9 अतिरिक्त पुलिसकर्मी तैनात कर दिए गए हैं। वाराणसी के कमिश्नर ने कैंट थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच को चिट्‌ठी की जांच करने को कहा है। आपको बता दें कि ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे का आदेश जारी किया गया था।  जिसके बाद से ही कुछ लोगों ने इस पर नाराजगी जाहिर की थी।  सर्वे के बाद वहां शिवलिंग जैसी आकृति मिली। जिसको मुस्लिम समुदाय ने इसे फव्वारा बताया था। अभी इस मामले में निर्णय नहीं आया है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 June 2022

बाड़मेर में भीषण सड़क हादसा

 एक ही परिवार के 8 सदस्यों की मौत  राजस्थान के बाड़मेर में एक भीषण सड़क हादसा हो गया। हादसा बाड़मेर जिले के गुड़ामालानी थाने के बाटा फाटे के पास हुआ। हादसे में सोमवार को  8 बारातियों की मौत हो गई। कार में सेडिया  के रहने वाले एक परिवार के 9 लोग सवार थे। परिवार के  8 सदस्यों की जान चली गई। हादसे की जगह से  दुल्हन का घर सिर्फ 8 किलोमीटर रह गया था। शादी की खुशियां मातम में बदल गईं। बारात में शामिल लोग कांधी की ढाणी जा रहे थे। बारात में शामिल अन्य वाहन से बाराती उतरे और गाड़ी में फंसे लोगों को बाहर निकालने का प्रयास किया। हादसा इतना भीषण था कि फंसे लोगों को बड़ी मुश्किल से बाहर निकाला। कई लाशें एक दूसरे से चिपकी हुई थीं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 June 2022

भाजपा नेताओं की विवादित बयानों की लिस्ट

27 नेताओं को  बयान देने से बचने की हिदायत  नुपुर शर्मा के विवादित  बयान के बाद भाजपा ने धार्मिक भावनाएं आहत करने वाले अपने 38 नेताओं की पहचान की है। भाजपा ने  27 चुने हुए नेताओं को  बयान देने से बचने की हिदायत दी है। नेताओं से कहा गया है कि धार्मिक मुद्दों पर बयान देने से पहले पार्टी से परमिशन लेना जरूरी है।  भाजपा पैगंबर मोहम्मद साहब पर विवादित टिप्पणी करने वाले नूपुर शर्मा और नवीन कुमार पर कार्रवाई के बाद अब भाजपा ने दूसरे नेताओं को हिदायत देनी शुरू कर दी है।  नेताओं के पिछले 8 साल  के बयानों को  खंगाला गया है। करीब 5,200 बयान गैर-जरूरी पाए गए। 2,700 बयानों के शब्दों को संवेदनशील पाया गया। 38 नेताओं के बयानों को धार्मिक मान्यताओं को आहत करने वाली कैटेगरी में रखा गया।  आपको बता दें अनंत कुमार हेगड़े, तथागत राय, प्रताप सिम्हा, विनय कटियार, महेश शर्मा, टी. राजा सिंह, विक्रम सिंह सैनी, साक्षी महाराज, संगीत सोम, शोभा करंदलाजे, गिरिराज सिंह, ।  आपको ये भी बताते चलें की कुवैत , क़तर और अन्य OIC  इस आपत्ति जाहिर की है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 June 2022

नुपुर को मुंबई पुलिस का समन

दिल्ली पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा  पैगंबर मोहम्मद  के खिलाफ नूपुर शर्मा की टिप्पणी का विवाद रुकने का नाम नहीं ले रहा है। नूपुर शर्मा के इस बयान के बाद  इस्लामिक देशों इस पर नाराजगी जाहिर की थी।  कई देशों ने भारतीय राजनीयकों  को  बाद बुलाया और इस पर आपत्ति जाहिर की।  वहीं केंद्र सरकार का साफ कहना है कि ये नूपुर का निजी विचार हैं।   भारत में हर धर्म का सम्मान किया जाता है। लेकिन  कांग्रेस और उलेमा ने  नुपुर की गिरफ़्तारी की मांग की। नूपुर शर्मा के खिलाफ मुंबई में केस दर्ज हो चुका है।  मंगलवार को समन भी जारी हो चुका है।  उधर  दिल्ली पुलिस ने नूपुर शर्मा की सुरक्षा बढ़ा दी है। आपत्तिजनक बयान वाला उनका वीडियो सामने आने के बाद नूपुर शर्मा ने कहा था कि उन्हें और उनके परिवार को धमकियां मिल रही हैं। नुपुर की गिरफ़्तारी को लेकर  10 जून को इस्लामिया कॉलेज मैदान में धरना देने की बात कही जा रही है। नूपुर के बयां को लेकर राहुल गांधी और पी. चिदंबरम समेत कांग्रेस के कई नेताओं के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल पर खुलकर अपना गुस्सा निकाला है। वाम दलों ने कहा  बीजेपी दूसरे देशों के दबाव में है। जिसके बाद  पार्टी के पदाधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 June 2022

लवजिहाद के विरोध में बंद का आह्वान

हिन्दू संगठनों ने जताई नाराजगी  जोधपुर  जिहाद मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है।  सिरोही जिले में लव जिहाद को लेकर विवाद बना हुआ है।   न्याय की गुहार की मांग को लेकर एक दिवसीय सिरोही बंद का आह्वान किया गया है।  पीड़ित लड़की के पिता को न्याय दिलाने के लिए 4 सूत्री मांगों को लेकर एसपी ने भरोसा दिलाया। लव जिहाद के विरोध में हल्ला बोल में विभिन्न संगठनों ने धरना प्रदर्शन किया। जिसके बाद विभिन्न संगठनों ने 12 सदस्यों की टीम बनाकर सिरोही एसपी धर्मेंद्र सिंह यादव से मुलाकात की और अपनी 4 सूत्री मांगों को लेकर एसपी से न्याय की गुहार की। इन्होंने इस पूरे प्रकरण की जांच के लिए सिरोही से बाहर के अधिकारी को जांच का जिम्मा दिए जाने की मांग की है। पीड़ित लड़की व परिजनों को घर वापसी के लिए पुलिस कल न्यायालय में आवेदन पेश करेगी। फिलहाल लड़की ने बालिग होने के कारण पुलिस में अपना बयान देकर स्वेच्छा से लड़के से रिलेशन में होना बताया है। लेकिन सर्व हिंदू समाज के संगठनों और पीड़ित पिता की मांग की  निष्पक्ष जांच हो। इस मामले में हिन्दू संगठन काफी नाराज दिखाई दिया।  लोग बंद के साथ न्याय  की मांग कर रहे है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 June 2022

भारत का इस्लामिक सहयोग संगठन  को करारा जवाब

छोटी सोच वाली टिप्पणी को सिरे से खारिज किया    पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ कथित विवादित टिप्पणी का मामला अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंच गया है। ओआईसी ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ टिप्पणी को लेकर भारत की आलोचना की। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र से आग्रह किया था कि मुसलमानों के अधिकारों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए।  भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस मामले में इस्लामिक सहयोग संगठन  को करारा जवाब दिया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची  ने कहा कि भारत OIC सचिवालय की गैर जरूरी और छोटी सोच वाली टिप्पणी को सिरे से खारिज करता है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने आगे कहा कि यह खेदजनक है कि OIC सचिवालय ने एक बार फिर से प्रेरित, गुमराह करने वाली और शरारतपूर्ण टिप्पणी की। यह निहित स्वार्थी तत्वों की शह पर उसके विभाजनकारी एजेंडे को उजागर करता है।  उन्होंने कहा कि संबंधित लोगों के खिलाफ पहले ही कड़ी कार्रवाई की जा चुकी है। उन्होंने इस मामले में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की टिप्पणी का विरोध किया। अपने जवाब में भारत ने पाकिस्तान को नसीहत दी कि पहले वो अपने गिरेबान में झांके और अल्पसंख्यकों के खिलाफ हो रहे अत्याचार बंद करें।  गौरतलब है की पाकिस्तान आयेदिन किसी न किसी बात को लेकर OIC और UN में मुद्दा बनाता रहा है।  जिसका जवाब भारत में बखूबी दिया गया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 June 2022

पाकिस्तान के होंगे तीन टुकड़े !

पूर्व पीएम इमरान खान का दावा  पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का नाता हमेशा विवादों रहा है।   चाहे वह फिर शादी को लेकर हो या फिर भारत विरोधी या यूं कहें की कश्मीर को लेकर  विवादित बयान हो।  हाल ही में इमरान खान को महंगाई , बेरोजगारी और कई मुद्दों को लेकर पद छोड़ना पड़ा था। या ये भी कहा जा सकता है की उनसे पीएम का पद छीन लिया गया।  और अब वो एक्स प्रधानमंत्री हो गए हैं।  दरअसल खस्ता हाल पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है   चीन की गोद में बैठा पाकिस्तान कभी रूस तो कभी अमेरिका की तरफ कटोरे फैलाता है।   महंगाई बेरोजगारी इस कदर है की जनता को किसी भी सरकार पर भरोसा नहीं है।  सरकार पर भी भरोसा हो कैसे   पाकिस्तान में कभी लोकतंत्र तो कभी मिलिट्री तो कभी आतंकवादी समर्थकों की सरकार बन जाती  है।   पाकिस्तान उन दस देशों की गिनती में  आता है जिसने सबसे ज्यादा कर्ज लिया है।   हालांकि कर्ज लेना कोई बड़ी बात नहीं है क्यूंकि कर्ज तो भारत सहित अधिकतर देशों ने लिया है।  लेकिन अब पाकिस्तान की हालत ऐसी है की उसको कोई कर्ज देने को तैयार नहीं है।  ले दे  पाकिस्तान के पास एक ही चारा बचा है और वो है इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड imf  लेकिन imf से कर्ज लेना यानी अपने देश को imf के हवाले कर देना अब पाकिस्तान उसी राह पर चल बैठा है। पाकिस्तान ने हाल ही में 30 , 30 रूपये कर दो बार पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाएं   और ये दाम इसलिए बढाए गए क्यूंकि imf ने कहा पाकिस्तान में पेट्रोल, डीजल और केरोसिन के दाम 30 रुपये प्रति लीटर पाकिस्तानी करंसी में बढ़ा दिए गए हैं।  फाइनेंस मिनिस्टर मिफ्ताह इस्माइल ने गुरुवार रात कहा- सरकार के पास इसके अलावा कोई चारा नहीं है। हमें IMF की शर्तों को भी पूरा करना है और मुल्क के हित भी देखने हैं। खास बात यह है कि सिर्फ 6 दिन पहले पाकिस्तान में फ्यूल के रेट्स 30 रुपए प्रति लीटर बढ़ाए गए थे। अब आते हैं मुद्दे की मुद्दे पर। जिस पर बवाल मचा हुआ है।  पाकिस्तान के एक्स पीएम इमरान खान ने सरकार पर आरोप लगाया है की सरकार जिस तरह काम कर रही है उससे पाकिस्तान के तीन टुकड़े हो जायेंगे।  अब जरा ये भी जान लीजिये की इमरान खान किस बात को लेकर इतने  उतावले हो रहे हैं। .. इमरान ने कहा है कि पाकिस्तान खुदकुशी की ओर बढ़ रहा है। अगर शक्तिशाली संगठन, यानी सेना ने जल्द दखल देकर हालात नहीं सुधारे तो पाकिस्तान के तीन टुकड़े हो जायेंगे।  जिसमे पंजाब, सिंध, बलूचिस्तान बनेगा।  इमरान ने कहा, 'मैं लिखकर दे सकता हूं कि अगर जल्द कार्रवाई को अंजाम नहीं दिया गया तो सबसे पहले खुद सेना ही बर्बाद हो जाएगी।  इमरान ने ये भी दलील दी की अगर सेना कमजोर हुई तो वह अपने न्यूक्लियर जखीरे की रक्षा नहीं कर पाएगी।   पाकिस्तान का खजाना खाली है  और भारत और अमेरिकी इसी ताक में बैठे हैं कि पाकिस्तान के कब टुकड़े हो जाएं।  आपको बताते चलें की  इमरान जल्द नए चुनाव के ऐलान को लेकर  धरने-प्रदर्शन कर रहे हैं और जिस वक्त वे इस तरह के बयान दे रहे हैं उस समय पाकिस्तान के वर्तमान पीएम   शहबाज शरीफ तुर्की की यात्रा पर हैं।  जहां दोनों देश व्यपार बढ़ाने की बात कह रहे हैं।  समझौते हो रहे हैं।  यहां तक की जहाज बनाने की भी बात की जा रही है लेकिन। अब ये कंगाल पाकिस्तान जहाज बनाने के सपने किसके दम पर देख रहा है ये आगे आने वाला समय ही बताएगा।  बहरहाल  पीपीपी प्रमुख आसिफ अली जरदारी ने इमरान के पकिस्तान के टुकड़े वाले बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी है।   प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ ने पलटवार करते हुए कहा  कि इमरान ने हदें पार दी हैं।  इमरान खान के ऐसे बयानों से साफ है कि उनमें देश को चलाने की कुव्वत नहीं थी।  शरीफ ने कहा कि इमरान भले ही सियासत करें, लेकिन देश के खिलाफ चुप रहें। PPP प्रमुख आसिफ अली जरदारी ने कहा कि देश की बर्बादी चाहने वाले इमरान ये जान लें कि कयामत तक पाकिस्तान कायम रहेगा। अब थोड़ी सी बात इमरान खान के पिछले दिनों की कर लेते हैं।  इनकी विदेश नीति को देख लेते हैं। क्या थी विदेश नीति और किसके बाद उनको पद छोड़ना पड़ा था।  दरअसल रूस यूक्रेन के बीच युद्ध शुरू ही हुआ था की पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री इमरान खान रूस से दोस्ती निभाने रूस यात्रा पर चले गए।  जहां उन्होंने रूस की सरकार के साथ खूब गलबहियाँ की  कई वादे और इरादे जाहिर किये। अब ये कह पाना मुश्किल है की ये उन्होंने जानबूझकर किया  या फिर उन्हें इस बात का अंदाजा ही नहीं था की रूस यूक्रेन पर हमला कर देगा।  इमरान के इस दौरे से अमेरिका और यूरोपीय देश नाराज हो गए। आप इसके ऐसे समझिये की अमेरिका ने पाकिस्तान के नेशनल बैंक पर 55 मिलियन यूएस डॉलर का जुर्माना लगाया।  नेशनल बैंक ऑफ पाकिस्तान पर यह जुर्माना एंटी मनी लॉन्ड्रिंग नियमों का उल्लंघन करने पर लगा था।  इमरान खान आरोप लगाते हैं कि विपक्ष ने अमेरिका के साथ मिलकर उनकी सरकार गिराई है। और ये  कुछ हद तक सही भी लगता है  क्यूंकि पाकिस्तान में नई सरकार बनने के बाद पाकिस्तान सरकार के मंत्री ने पहली यात्रा अमेरिका की की है।  पाकिस्तान को जन्नत बनाने के वादे के साथ आये इमरान खान ने तीन साल में पाकिस्तान की नैया डुबो कर रख दी। हालाँकि इसके लिए सिर्फ इमरान खान जिम्मेदार नहीं हैं।  पहले की भी सरकार थी।  इसको ऐसे समझते हैं। पाकिस्तान पर फरवरी 2022 तक कर्ज चढ़कर 43 लाख करोड़ पाकिस्तानी रुपए   हो चुका है. जिसमें से अकेले 18 लाख करोड़ रुपए का उधार वाला कर्ज साढ़े तीन साल में इमरान खान ने पाकिस्तान चलाने के लिए लिया। चीन पहले ही पाकिस्तान को 11 अरब डॉलर के कर्ज दे चुका है।   पिछले वित्त वर्ष में पाकिस्तान ने ब्याज के तौर पर चीन को 26 अरब पाकिस्तानी रुपये का भुगतान किया था  हर पाकिस्तानी के ऊपर अब 1 लाख 75 हजार रुपये का कर्ज है  इसमें इमरान खान की सरकार का योगदान 54901 रुपये है, जो कर्ज की कुल राशि का 46 फीसदी हिस्सा है।   पाकिस्तान पर 50.5 ट्रिलियन के रिकॉर्ड स्तर पर  का कर्ज है  यानी  करीब 283 अरब डॉलर का।  लेकिन एक कहावत बनी है।   रस्सी जल गई लेकिन बल नहीं गया।  यही पाकिस्तान पर भी लागू होता है। कर्ज की तलवार सिर पर लटकाये पाकिस्तान पूरे विश्व में कश्मीर का राग अलापते रहता  है।  सरकार कोई भी आये सबसे पहले कश्मीर को लेकर सियासत चमकाने की कोशिश रहते हैं। बाद में हाल इमरान खान जैसे हो जाते हैं। पाकिस्तान ने मुस्लिम देशों का भी मसीहा बनने की भी काफी कोशिश की है।  लेकिन अब तक सफलता मिली नहीं है। पकिस्तान की आर्थिक स्थिति देखकर अब लगने लगा है की पाकिस्तान भी श्रीलंका के क़दमों पर चल पड़ा है। चीन के कर्ज के तले दबे पाकिस्तान के किस हिस्से को चीन दबा लेगा उसको पता भी नहीं चलेगा।  पाकिस्तान ने उइगर मुसलमानों पर तो चुप्पी साध ही रखी है। खुद के देश में कब्जे पर भी चुप्पी साधनी पड़ सकती है। बहरहाल इमरान खान के टुकड़े वाले बयान पर अभी सियासत जारी है। अब देखना ये होगा की इमरान खान की बात कब तक सच साबित होती है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 June 2022

ज्ञानवापी में संतों ने पूजा करने की अनुमति मांगी

स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद पूजा के बाद ही अन्न ग्रहण करेंगे    वाराणसी का ज्ञानवापी परिसर मामले में बयानबाजी का दौर जारी है।  कोर्ट का अभी फैसला नहीं आया है।  इस मामले में  मिली शिवलिंग जैसी आकृति को लेकर विवाद थम नहीं रहा है। इससे पहले धार्मिक नगरी काशी में साधु संतों ने शिवलिंग जैसी आकृति की पूजा करने के लिए अनुमति मांगी है। स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने  ज्ञानव्यापी परिसर में संतों के साथ पूजा-अर्चना करने की घोषणा की है।   जिला प्रशासन ने कहा है कि यह मामला अभी कोर्ट में चल रहा है और विवादित स्थल पर सीआरपीएफ का घेरा है, इस कारण से प्रशासन ने पूजा की अनुमति नहीं दी है। किसी विवाद की स्थिति से बचने के लिए प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था पहले से कड़ी कर दी है। पुलिस द्वारा मठ पर रोके जाने के बाद स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि न्यायालय का जो निर्णय होगा, उसे हम मानेंगे लेकिन कोर्ट का निर्णय आने तक क्या भगवान भूखे और प्यासे रहेंगे ...हमने प्रार्थना करने की अनुमति के लिए पुनर्विचार याचिका दायर की, लेकिन पुलिस से कोई जवाब नहीं मिला। उन्होंने कहा कि मैंने अपने खुद के मोबाइल से आयुक्त को याचिका भेजी और अपने आदमी को पत्र के साथ उपायुक्त के ऑफिस भेजा। मेरे पास प्रमाण है। मैं यहां बैठूंगा, पूजा के बाद ही खाना खाऊंगा। संतो ने शिव आकृति की पूजा करने का मन बनाया है।  संतो ने ये भी कहा है की कोर्ट का फैसला जो भी हो माना जाएगा।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 June 2022

ज्ञानवापी में संतों ने पूजा करने की अनुमति मांगी

स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद पूजा के बाद ही अन्न ग्रहण करेंगे    वाराणसी का ज्ञानवापी परिसर मामले में बयानबाजी का दौर जारी है।  कोर्ट का अभी फैसला नहीं आया है।  इस मामले में  मिली शिवलिंग जैसी आकृति को लेकर विवाद थम नहीं रहा है। इससे पहले धार्मिक नगरी काशी में साधु संतों ने शिवलिंग जैसी आकृति की पूजा करने के लिए अनुमति मांगी है। स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने  ज्ञानव्यापी परिसर में संतों के साथ पूजा-अर्चना करने की घोषणा की है।   जिला प्रशासन ने कहा है कि यह मामला अभी कोर्ट में चल रहा है और विवादित स्थल पर सीआरपीएफ का घेरा है, इस कारण से प्रशासन ने पूजा की अनुमति नहीं दी है। किसी विवाद की स्थिति से बचने के लिए प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था पहले से कड़ी कर दी है। पुलिस द्वारा मठ पर रोके जाने के बाद स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि न्यायालय का जो निर्णय होगा, उसे हम मानेंगे लेकिन कोर्ट का निर्णय आने तक क्या भगवान भूखे और प्यासे रहेंगे ...हमने प्रार्थना करने की अनुमति के लिए पुनर्विचार याचिका दायर की, लेकिन पुलिस से कोई जवाब नहीं मिला। उन्होंने कहा कि मैंने अपने खुद के मोबाइल से आयुक्त को याचिका भेजी और अपने आदमी को पत्र के साथ उपायुक्त के ऑफिस भेजा। मेरे पास प्रमाण है। मैं यहां बैठूंगा, पूजा के बाद ही खाना खाऊंगा। संतो ने शिव आकृति की पूजा करने का मन बनाया है।  संतो ने ये भी कहा है की कोर्ट का फैसला जो भी हो माना जाएगा।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 June 2022

गैंगरेप मामले में दो लोग गिरफ्तार

राज्यपाल ने मांगी रिपोर्ट  हैदराबाद में नाबालिग केस में राज्यपाल रिपोर्ट मांगी है।  जुबली हिल्स में एक नाबालिग लड़की के कथित गैंगरेप मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इनके खिलाफ रेप और पॉक्सो एक्ट की तमाम धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। इससे पहले शनिवार को इस मामले में दो नाबालिगों को हिरासत में लिया गया था। इन दो नाबालिगों में एक प्रभावशाली नेता का बेटा बताया जा रहा है। वहीं इस मामले में तेलंगाना की राज्यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन ने मुख्य सचिव और डीजीपी को दो दिनों के भीतर विस्तृत रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया है। आरोपों के मुताबिक पीड़िता के साथ 28 मई को कथित तौर पर पांच लोगों ने बलात्कार किया था, जिनमें से तीन नाबालिग हैं। उधर, विपक्षी दलों, बीजेपी और कांग्रेस ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग को लेकर दबाव बनाना शुरु कर दिया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 June 2022

विज्ञान भवन में ‘मिट्टी बचाओ’ पर कार्यक्रम

विश्व भर में पर्यवरण दिवस मनाया गया  पूरे विश्व भर में पर्यवरण दिवस मनाया जा रहा है।  विश्व पर्यावरण दिवस पर  दिल्ली में विज्ञान भवन में ‘मिट्टी बचाओ’ पर कार्यक्रम आयोजित किया गया।   कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने देश को बड़ी खुशखबरी दी। पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच देश की तेल कंपनियों ने एथेनॉल पट्रोल ब्लेंडिंग  का अपना 10 फीसदी का लक्ष्य हासिल कर लिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि देश ने यह लक्ष्य 5 माह पहले ही हासिल कर लिया है। आपको बता दें कि एथेनॉल पट्रोल ब्लेंडिंग के कारण कार्बन उत्सर्जन में भी भारी कमी आती है।  देश के किसानों की आय में भी बढ़ोतरी होती है।  मई माह में ही केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा था कि भारत में पेट्रोल में इथेनॉल मिश्रण का स्तर 9.99 प्रतिशत तक पहुंच गया है। गौरतलब है कि भारत ने 2022 के अंत तक पेट्रोल में 10 प्रतिशत इथेनॉल मिश्रण और 2030 तक 20 प्रतिशत मिश्रण का लक्ष्य रखा था। इसके अलावा केंद्र सरकार ने 2030 तक डीजल के साथ बायोडीजल के 5 प्रतिशत मिश्रण का भी लक्ष्य रखा है। इस हिसाब तेल कंपनियों ने 10 फीसदी का लक्ष्य करीब 5 महीने पहले ही पूरा कर लिया है। इसके जरिये  केंद्र सरकार ने करीब 40 हजार करोड़ रुपए की बचत की है। एथेनॉल पट्रोल ब्लेंडिंग से पैसे की बचत तो हो ही रही है साथ ही पर्यावरण कम कार्बन उत्सजर्न हो रहा है।  जो ख़ुशी की बात है।  अगर ऐसा ही रहा तो इंडिया अपने 2030 के लक्ष्य को पूरा कर लेगा।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 June 2022

देश में बढ़ रहा कोरोना

केंद्र सरकार अलर्ट मोड पर देश में फिर कोरोनो वायरस के मामले  बढ़ रहे है। ऐसे में केंद्र सरकार अलर्ट मोड़ पर आ गई है।  पांच राज्यों को कोरोना पर नियंत्रण करने के लिए पत्र लिखा गया है । केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषणा ने केरल, तेलंगाना, तमिलनाडु, कर्नाटक और महाराष्ट्र को पत्र लिखा है।  जिसमे उन्होंने कहा, 'कुछ प्रदेशों में ही केस बढ़ रहे हैं। इससे स्थानीय स्तर संक्रमण फैलने का संकेत मिलता है। राजेश भूषण ने कहा कि पिछले तीन माह के दौरान देश में कोविड-19 के मामलों में लगातार गिरावट देखने को मिली है। लेकिन, पिछले सप्ताह के दौरान केस में कुछ बढ़ोतरी दर्ज की गई। उन्होंने कहा, 27 मई तक कोरोना के 15,708 मामले मिले थे। वहीं तीन जून को खत्म हुए हफ्ते में यह संख्या 21,055 पर पहुंच गई है। साप्ताहिक संक्रमण दर भी 27 मई के 0.53 फीसद की तुलना में तीन जून को 0.73 फीसद पर पहुंच गई है। आशंका जताई जा रही है कि भारत में इसी तरह मामले बढ़ते रहे तो चौथी लहर भारत में आ सकती है।  इससे पहले कोरोना की जांच कर स्थिति को निंत्रण में रखा जाय।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 June 2022

स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने  ज्ञानव्यापी परिसर

 सुरक्षा के कड़े इंतजाम , कोर्ट का फैसला बाकी  ज्ञानवापी परिसर का मामला थमता दिख नहीं रहा है।  कोर्ट का फैसला अभी आया नहीं है।  धार्मिक नगरी काशी में साधु संतों ने शिवलिंग जैसी आकृति की पूजा करने के लिए अनुमति मांगी है। स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने  ज्ञानव्यापी परिसर में संतों के साथ पूजा-अर्चना करने की घोषणा की है।  प्रशासन का कहना है की मामला अभी कोर्ट में चल रहा है।   विवादित स्थल सीआरपीएफ की सुरक्षा में है।  इस कारण से प्रशासन ने पूजा की अनुमति नहीं दी है। किसी विवाद की स्थिति से बचने के लिए प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था पहले से कड़ी कर दी है। स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि न्यायालय का जो निर्णय होगा, उसे हम मानेंगे लेकिन कोर्ट का निर्णय आने तक क्या भगवान भूखे और प्यासे रहेंगे?...हमने प्रार्थना करने की अनुमति के लिए पुनर्विचार याचिका दायर की, लेकिन पुलिस से कोई जवाब नहीं मिला। उन्होंने कहा कि मैंने अपने खुद के मोबाइल से आयुक्त को याचिका भेजी और अपने आदमी को पत्र के साथ उपायुक्त के ऑफिस भेजा। मेरे पास प्रमाण है। मैं यहां बैठूंगा, पूजा के बाद ही खाना खाऊंगा। फिलहाल पुलिस स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद की हर गतिविधि पर नजर बनाए हुए है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 June 2022

महाराष्ट्र में कोरोना ने डराया

मास्क लगाना अनिवार्य किया गया  कोरोना की बढ़ती रफ़्तार एक बार फिर डराने लगी है।  महाराष्ट्र में एक बार फिर कोरोना का कहर दिखने लगा है।  यहां लगातार कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं।  जिसके चलते महाराष्ट्र सरकार ने पाबंदियां लगानी शुरू कर दी है।  भारत में भी केस बढ़ते जा रहे हैं। महाराष्ट्र में सरकार ने सार्वनजनिक स्थानों पर मास्क अनिवार्य कर दिया गया  है। अभी लोगों से मास्क पहनने की अपील की गई है, लेकिन लापरवाही जारी रही, तो दांडात्मक कार्रवाई भी की जाएगी। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने जिला अधिकारियों को कोरोनोवायरस परीक्षण में तेजी लाने के लिए कहा है।  कलेक्टरों, नगर निगमों और मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को लिखे पत्र में अतिरिक्त मुख्य सचिव ने कहा है आरटी-पीसीआर परीक्षणों का अनुपात कम से कम 60 प्रतिशत हो। स्वास्थ्य मंत्रालय ने  पांच राज्यों को सभी इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारी (ILI) और गंभीर तीव्र श्वसन बीमारी (SARI) के मामलों की निगरानी करने के लिए भी कहा गया है।  ताकि संक्रमण के प्रसार को प्रभावी ढंग से ट्रैक किया जा सके। केरल , कर्नाटक , तमिलनाडु , महाराष्ट्र , चेन्नई में मामले बढे हैं।  सभी राज्यों को नियंत्रण करने की जरूरत है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 June 2022

अमेरिका बना भारत का सबसे बड़ा ट्रेडिंग पार्टनर

चीन को पीछे छोड़ 119.42 अरब डालर का व्यापार  चीन को पीछे छोड़ अब अमेरिका भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक पार्टनर बना है।  2021-22 के डेटा से सामने आया है। इससे पहले चीन ही भारत का सबसे बड़ा ट्रेडिंग पार्टनर था। लेकिन अमेरिका इन इस साल सबसे ज्यादा व्यापार कर इससे यह साफ कर दिया है कि  अमेरिका के साथ भारत का  मजबूत आर्थिक संबंध  है। ट्रेड एक्सपर्ट्स का मानना ​​है कि आने वाले वर्षों में भी अमेरिका के साथ द्विपक्षीय व्यापार में बढ़त का ट्रेंड जारी रहेगा दोनों देश अपने आर्थिक संबंधों को और मजबूत बनाने में जुटे हैं। वित्त मंत्रालय के अनुसार साल 2021-22 में अमेरिका और भारत के बीच 119.42 अरब डालर का द्विपक्षीय व्यापार हुआ जो 2020-21 में 80.51 अरब डालर था। अमेरिका का निर्यात 2021-22 में बढ़कर 76.11 अरब डालर हो गया। बता दें कि यह 2020-21 में 51.62 अरब डालर था। वहीं 2020-21 में लगभग 29 अरब डालर की तुलना में आयात बढ़कर 43.31 अरब डालर हो गया।  के साथ ज्यादा व्यापार हुआ इसका मतलब यह नहीं है की चीन से व्यापार घटा है।  आपको बता दें कि 2021-22 में चीन के साथ भारत का द्विपक्षीय व्यापार 115.42 अरब डालर का हो गया जो 2020-21 में 86.4 अरब डालर था। चीन को 2020-21 में 21.18 अरब डालर का निर्यात किया। पिछले वित्त वर्ष में ये 21.25 अरब डालर था। वहीं 2021-22 में आयात लगभग 65.21 अरब डालर से बढ़कर 94.16 अरब डालर हो गया। 2021-22 में ट्रेड गैप बढ़कर 72.91 अरब डालर हो गया, जो पिछले वित्त वर्ष में 44 अरब डालर था।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 June 2022

सीएम अरविन्द केजरीवाल का केंद्र पर निशाना

सभी आप विधायकों को एक साथ करें गिरफ्तार  आप नेता और दिल्ली के मंत्री सतेंद्र जैन की गिरफ़्तारी को लेकर अब सियासत तेज हो गई है।  आप पार्टी ने बीजेपी पर आरोप लगाए हैं।  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने  केंद्र सरकार पर पलटवार करते हुए कहा कि सरकार सत्येंद्र जैन के बाद मनीष सिसोदिया को भी झूठा केस बनाकर अरेस्ट करने वाली है। गौरतलब है कि एक दिन पहले स्मृति ईरानी ने दिल्ली सरकार से सवाल किया था कि सत्येंद्र जैन गिरफ्तार होने के बाद भी मंत्री क्यों बने हुए हैं। अरविंद केजरीवाल ने कहा  कि उन्होंने कुछ महीने पहले बता दिया था कि सरकार सत्येंद्र जैन को फर्जी केस में गिरफ्तार करने वाली है। कल उन्हीं सूत्रों से सूचना मिली है कि अगले कुछ दिनों में मनीष सिसोदिया को भी गिरफ्तार किया जायेगा।  सरकार ने सभी जांच एजेंसी को मनीष के खिलाफ कोई न कोई फर्जी केस बनाने कहा है। केजरीवाल ने कहा मुझे लगता है इन दोनों को फर्जी केस में फंसाकर दिल्ली में शिक्षा और स्वास्थ्य के अच्छे कामों को रोकना चाहते हैं, चिंता मत कीजिए मैं ऐसा कभी नहीं होने दूंगा। सभी अच्छे काम चलते रहेंगे। केजरीवाल ने ये भी कहा कि प्रधानमंत्री मोदी से विनती है कि एक-एक करके जेल में डालने के बजाय आप आम आदमी पार्टी के हम सभी विधायकों और मंत्रियों को एक साथ जेल में डाल दीजिए। सारी जांच एजेंसी को बोल दीजिए कि एक साथ सारी जांच कर लें। आप एक-एक मंत्री को गिरफ्तार करते हो इससे जनता के कामों में बाधा होती है। आपको बता दें की केजरीवाल ने आशंका जताई है कि सतेंद्र जैन के बाद अब बीजेपी की केंद्र सरकार मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार करा सकती है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 June 2022

टारगेट किलिंग बैंक मैनेजर की हत्या

नहीं थम रही टारगेट किलिंग  कश्मीर में टारगेट किलिंग के मामले लगातार बढ़ाते जा रहे हैं।  एक टीचर की हत्या के बाद आतंकवादियों ने एक और टारगेट किलिंग को अंजाम  दिया है। राजस्थान के रहने वाले बैंक मैनेजर को  कुलगाम में बैंक में घुसकर गोली मार दी गई । 3 दिन पहले कुलगाम में ही एक टीचर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। अधिकारियों ने बताया  कि मोहनपोरा ब्रांच में विजय कुमार को आतंकवादियों ने गोली मारी। नाजुक हालत में उन्हें अस्पताल ले जाया गया।   जहां उनकी मौत हो गई। आतंकवादियों की इस हरकत से लोगों में भी डर का माहौल है।  वहीं सुरक्षा को लेकर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।  जिसको लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह अब इसकी समीक्षा करने के लिए 3 जून को नई दिल्ली में हाई लेवल मीटिंग लेने वाले हैं।  इसमें जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा,एनएसए अजीत डोभाल भी शामिल रहेंगे। आपको बता दें इस महीने अब तक कुल  6 टारगेट किलिंग हो चुकी है। पिछले दिनों ही इससे पहले एक शिक्षक की आतंकवादियों ने हत्या कर दी थी।  सुरक्षावलों ने इस मामले म जांच शुरू कर दी है।  आतंकवादियों की तलाश जारी है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 June 2022

सोनिया गांधी और राहुल गांधी को समन

ED ने मामले में पूछताछ के लिए बुलाया  मनी लॉन्डरिंग केस में  ED ने सिकंजा कसना शुरू कर दिया है।  इस मामले में ED ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी को समन भेजा है। मनी लॉन्ड्रिंग केस में राहुल को 2 जून यानी कल और सोनिया को 8 जून को पूछताछ के लिए बुलाया है।  सोनिया 8 जून को पूछताछ में शामिल होंगी। एजेंसी ने नेशनल हेराल्ड केस की जांच में दोनों नेताओं को शामिल होने को कहा है। इस केस में ED ने कांग्रेस के 2 बड़े नेता पवन बंसल और मल्लिकार्जुन खड़गे को बीते 12 अप्रैल को जांच में शामिल किया था। 2014 में सुब्रमण्यम स्वामी ने सोनिया और राहुल के खिलाफ केस दर्ज कराया था। इसमें स्वामी ने गांधी परिवार पर 55 करोड़ की गड़बड़ी का आरोप लगाया था। उधर कांग्रेस ने नोटिस जारी होने पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि तानाशाह सरकार डर गई है।   इसलिए बदले की कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार बदले की भावना में अंधी हो गई है। इसलिए ये  बदले की कार्रवाई है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 June 2022

मुंबई में फिर डराया कोरोना ने

24 घंटों में मुंबई में 506 नए केस  देश में कुल COVID-19 मामलों की संख्या 4 करोड़ 31 लाख 60 हजार के पार हो गई। इस बीच मुंबई में फिर कोरोना पैर पसार रहा है। कोरोना का डर फिर मुंबई वासियों को डराने लगा है। मुंबई में कोरोना की रफ्तार फिर बढ़ी है। पिछले 24 घंटों में मुंबई में 506 नए कोरोना के  मरीज मिले हैं। जो इस साल 6 फरवरी के बाद सबसे अधिक संख्या है। शहर में टेस्ट के दौरान पॉजिटिविटी रेट 6% तक पहुंच गया है। मुंबई में अप्रैल में आए केस की तुलना में मई में कोविड मरीजों की संख्या में 100% से अधिक की बढ़ोतरी देखी गई है। देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2,745 नए मामले सामने आए हैं। 6 मरीजों की मौत हो गई।  कुल एक्टिव केस बढ़कर 17 हजार 800 हो गए। पिछले 24 घंटों में वहीं, 2, 236 कोरोना से ठीक हो गए और 6 लोगों की मौत हुई है जिसके बाद मरने वालों की संख्या बढ़कर 5 लाख 24 हजार 600 हो गई। फिलहाल संक्रमण दर 0.04% है, जबकि कोरोना का रिकवरी रेट 98.74% दर्ज किया गया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 June 2022

कामर्शियल सिलेंडर के दाम घटे

19 kg के दाम 135 रुपए घटे  महंगाई से आम जनता का बुरा हाल है।  लेकिन इस बीच आम आदमी के लिए राहत भरी खबर है। कमर्शियल रसोई गैस सिलेंडर 19 kg के दाम 135 रुपए घटे है। 1 जून से 19 किलो का कमर्शियल सिलेंडर 135 रुपये सस्ता हो जाएगा। हालांकि 14.2 किलो वाले घरेलू सिलेंडर की कीमत यथावत रहेगी। 19 किलो के कमर्शियल सिलेंडर की कीमत अब दिल्ली में 2,354 रुपये प्रति सिलेंडर से घटकर 2,219 रुपए हो हई है। वहीं कोलकाता में 19 KG सिलेंडर अब 2,454 रुपए के बजाय 2,322 रुपए, कोलकाता में 2,171.50 रुपए के बजाय 2,306 रुपए में बिकेगा। मुंबई और चेन्नई में इसकी कीमत 2,507 रुपए से घटकर 2,373 रुपए रह गई है।रूस-यूक्रेन युद्ध के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है, जिसका असर हाल ही में पेट्रोल, डीजल, एटीएफ और एलपीजी की कीमतों में देखने को मिला है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 June 2022

कश्मीर में फिर हिन्दू टीचर की हत्या

फारूख अब्दुल्ला ने विवादित बयान  जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर हत्या हुई है। कुलगाम में आतंकियों ने स्कूल में घुसकर हिंदू टीचर की हत्या कर दी। महिला टीचर का नाम रजनी बाला है। आपको बता दें कि इसी तरह कुछ दिन पहले आतंकियों ने राहुल भट्ट की हत्या कर दी थी। घटना के बाद से परिवार शोक में है। रजनी भट्ट प्रधानमंत्री पैकेज की तहत सेवाएं दे रही थीं। वे मूल रूप से गोपालपुर की रहने वाली थीं। रजनी बाबा की हत्या के बाद स्थानीय हिंदुओं में गुस्सा है। वहीं विपक्षी नेताओं ने घटना पर अफसोस जताते हुए केंद्र सरकार की नीतियों पर सवाल उठाया।  मनी लॉन्ड्रिंग केस में पूछताछ के लिए ED दफ्तर जाते समय फारुख ने यह बात कही। वहीं  फारूख अब्दुल्ला ने विवादित बयान दिया कि सब मारे जाएंगे। इन सब पर कश्मीरी पंडितों में रोष है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 May 2022

पीएम किसान सम्मान निधि ट्रांसफर

पीएम किसान सम्मान निधि की यह 11वीं किस्त पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों के खाते में 21,000 करोड़ रुपये से अधिक की पीएम किसान सम्मान निधि की 11वीं किस्त ट्रांसफर कर दी गई । इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी लाभार्थियों के साथ बातचीत भी की। योजना के तहत किसानों के खातों में 2000 रुपए की राशि ट्रांसफर की गई। हर चार महीने में यह राशि किसानों को दी जाती है। मोदी  बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने दिसंबर 2018 में पीएम किसान सम्मान निधि योजना शुरू की थी। यह नरेंद्र मोदी सरकार के तहत एक केंद्रीय योजना है, जिसका उद्देश्य उन किसान परिवारों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है जिन्हें सहायता की आवश्यकता है। पूरी तरह से सरकार समर्थित योजना, पीएम किसान सम्मान निधि योजना उन सभी किसानों के परिवारों के लिए लागू है जिनके पास सीमित भूमि है। पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत भूमिधारक किसानों को प्रति वर्ष 6,000 रुपये का भत्ता मिलता है, जो चार महीने के अंतराल में साल में तीन बार वितरित किया जाता है। अब तक सरकार किसानों के कल्याण के लिए पीएम-किसान योजना पर 1.80 लाख करोड़ रुपये से अधिक खर्च कर चुकी है। पैसे ट्रांसफर होने से किसानो में ख़ुशी देखी गई।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 May 2022

सत्येंद्र जैन को मनी लॉन्ड्रिंग केस में कोर्ट में पेश

  सतेंद्र जैन गिरफ्तारी मामले में सियासत जारी    दिल्ली में प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन को मनी लॉन्ड्रिंग केस में आज कोर्ट में पेश किया गया।  ईडी कोर्ट से सत्येंद्र जैन की रिमांड की मांग कर सकती है। गौरतलब है कि सोमवार को ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में गिरफ्तार किया था। सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी के बाद जहां सियासी विवाद छिड़ गया है, वहीं ख्यात कवि और आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता कुमार विश्वास ने ट्वीट कर सत्येंद्र जैन, अरविंद केजरीवाल पर करारा निशाना साधा है। कुमार विश्वास ने ट्वीट कर कहा है कि “यह केस जब पहली बार आया था तो मैंने भरी PAC में सत्येंद्र जैन से जवाब मांग था।  मैंने कहा निजी संबंध अपनी जगह पर इसका जवाब दो, तो आजकल पंजाब का वसूली-प्रमुख बना नया “चिंटू” कागज फैलाकर बोला “ सर मैं CA हूं, कोई गड़बड़ नहीं है”। गौरतलब है कि सीबीआई ने 2017 में सत्येंद्र जैन के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के तहत मामला दर्ज किया था।  इसमें सत्येंद्र जैन पर मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप लगाया गया था। सत्येंद्र जैन पर आरोप है कि प्रयास इंफो सोल्यूशंस, अकिंचन डेवलपर्स, मंगलायतन प्रोजेक्ट्स और इंडो मेटल इंपेक्स प्राइवेट लिमिटेड को 4.63 करोड़ रुपए मिले। जांच में पता चला है कि इन कंपनियों ने मुखौटा कंपनियों से 4.81 करोड़ रुपए मिलने का दावा किया। अब इस पर सियासत भी जमकर हो रही है।  आप पार्टी के प्रशांत भूषण  ने कहा कि जल्द ही सतेंद्र छूट जायेंगे।  उनको गलत तरीके से गिरफ्तार किया गया है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 May 2022

मंकीपॉक्स के पीसीआर-किट विकसित हुई

मंकीपॉक्स के पीसीआर-किट विकसित हुई  चार रंगों की फ्लोरोसेंस आधारित है किट   मंकीपॉक्स ने यूरोपीय देशों सहित कई देशों में फ़ैल चुका  है। WHO ने इसको लेकर चिंता भी व्यक्त की थी।  इस  बीच भारतीय कंपनी को बड़ी सफलता मिली है। चेन्नई स्थित चिकित्सा उपकरण कंपनी ट्रिविट्रॉन हेल्थकेयर ने कहा है कि उसने मंकीपॉक्स वायरस संक्रमण का पता लगाने के लिए एक रीयल-टाइम आरटी-पीसीआर-किट विकसित की है।  मंकीपॉक्स RT-PCR किट चार रंगों की फ्लोरोसेंस आधारित किट है।  जो एक-ट्यूब सिंगल रिएक्शन फॉर्मेट में चेचक और मंकीपॉक्स के बीच अंतर कर सकती है। कंपनी ने बताया कि टेस्ट किट में वायरस यदि मौजूद है तो पता लगाने में लगभग 1 घंटे का समय लगता है। कंपनी ने आगे कहा कि VTM (वायरल ट्रांसपोर्ट मीडिया) में ड्राई स्वैब और को टेस्टिंग के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। WHOने मंकीपॉक्स की प्रयोगशाला पुष्टि के लिए त्वचा के घाव की सामग्री, स्वाब घाव की पपड़ी जैसे सैंपल लेने की सलाह दी है। अब तक 20 देशों में संक्रमणों की कुल संख्या 200 हो गई है। हालांकि भारत में अभी तक एक भी मामला सामने नहीं आया है।  लेकिन इसको लेकर भारत को भी तैयार रहना होगा। सरकारों ने इस पर सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है। लोगों में मंकीपॉक्स को लेकर जागरूकता फैलाई जा रही है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 May 2022

भाजपा ने राज्यसभा के लिए घोषित किये उम्मीदवार

मध्यप्रदेश से कविता पाटीदार को प्रत्याशी बनाया गया राज्यसभा चुनाव के लिए सियासत जारी है।  गठजोड़ और आपसी सामंजस्य बैठाने में सभी पार्टियां लगी हुई है। 15 राज्यों की 57 सीटों के लिए 10 जून को चुनाव होंगे। यूपी की 11 सीटें खाली हो रही है। इनमें 6 सीटों पर भाजपा ने उम्मीदवार उतारे हैं। 31 मई को नामांकन दाखिल करने की लास्ट डेट है। 1 जून को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी। 3 जून तक उम्मीदवार नाम वापस ले सकते हैं। 10 जून को सुबह 9 से दोपहर 4 बजे तक वोटिंग होगी। शाम 5 बजे से मतगणना शुरू होगी। इस बीच भाजपा ने राज्यसभा के 16 उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया है । पार्टी ने निर्मला सीतारमण को कर्नाटक और पीयूष गोयल को महाराष्ट्र से उम्मीदवार बनाया है। बीजेपी ने  8 राज्यों से अपने 16 कैंडिडेट की घोषणा की है। इनमें 5 महिला है। भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति की मंजूरी मिलने के बाद पार्टी ने नामों की घोषणा की। मध्यप्रदेश से कविता पाटीदार को प्रत्याशी बनाया गया है। कर्नाटक से वित्तमंत्री सीतारमण और जग्गेश को उतारा गया है। महाराष्ट्र से पीयूष गोयल और अनिल सुखदेवराव बोंडे उम्मीदवार होंगे। राजस्थान से घनश्याम तिवारी को टिकट दिया गया है। यूपी से 6 उम्मीदवारों को पार्टी ने राज्यसभा का टिकट दिया है। उनमें डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी, डॉ. राधामोहन अग्रवाल, सुरेंद्र सिंह नागर, बाबूराम निषाद, दर्शना सिंह और संगीता यादव हैं। उत्तराखंड से कल्पना सैनी जबकि बिहार से संतीश चंद्र दुबे और शंभू पटेल उम्मीदवार है। हरियाणा से कृष्ण लाल पंवार को पार्टी ने टिकट दिया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 May 2022

कांग्रेस नेता पंजाबी गायक सिद्धू की हत्या

अज्ञात लोगों ने गोली मारकर की हत्या  पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार है लेकिन इस बीच बड़ी घटना सामने आई है।  पंजाब के मनसा  में अज्ञात लोगों ने कांग्रेस नेता और पंजाबी गायक सिद्धू मूसे वाला पर गोली चला दी। घटना में सिद्धू की मौत हो गई है।  वहीं दो लोग घायल भी हुए हैं ।  जानकारी के मुताबिक गोली लगने के बाद गंभीर हालत में सिद्धू को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।  जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। आपको बता दें कि एक दिन पहले ही पंजाब सरकार ने 424 लोगों की सुरक्षा वापस ले ली थी। इनमें सिद्धू भी शामिल थे। हत्या  के बाद अब पंजाब सरकार पर सवाल उठ रहे हैं। गौरतलब है की सिद्धू मूसेवाला ने पंजाब विधानसभा का चुनाव कांग्रेस के टिकट पर मानसा से लड़ा था।  उन्हें आप उम्मीदवार विजय सिंगला ने 63,000 मतों के भारी अंतर से हराया था। विजय सिंगला को हाल ही में पंजाब के सीएम भगवंत मान ने भ्रष्टाचार के आरोप में बर्खास्त कर दिया था। पिछले महीने, सिद्धू मूसेवाला ने अपने नवीनतम गीत 'बलि का बकरा' में आम आदमी पार्टी और उसके समर्थकों को निशाना बनाने के बाद एक विवाद खड़ा कर दिया था। गायक ने कथित तौर पर अपने गाने में आप समर्थकों को 'गद्दार'  कहा था। कुछ भी हो राजनीति के बीच किसी की हत्या राजनीति के लिए सही संकेत नहीं है।  हालांकि यह जाँच का विषय है की किसने और किन कारणों से उनकी हत्या की।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 May 2022

राज्यसभा चुनाव पर कांग्रेस की आस

झामुमाे अपना उम्मीदवार खड़ा करेगा राज्यसभा चुनाव काे लेकर अब सियासत गर्म हो गई है।  झारखण्ड में झामुमाे  जहां अपना उम्मीदवार खड़ा करेगा। वहीं कांग्रेस को भी अभी उम्मीदें हैं।  दिल्ली में कांग्रेस की बैठक हुई, लेकिन उसमें कोई निर्णय नहीं हुआ। कांग्रेस काे अब भी झामुमाे के सीधे जवाब का इंतजार है। बताया जा रहा है कि दाे दिनाें के भीतर कांग्रेस का इंतजार खत्म भी हाे जायेगा।  झामुमाे ने  पार्टी पदाधिकारियाें की बैठक बुलाई।  जिसमें खासताैर पर राज्यसभा चुनाव पर विचार-विमर्श किया जाएगा। झामुमाे के कार्यकारी अध्यक्ष सह मुख्यमंत्री हेमंत साेरेन इस बैठक में शामिल हाेंगे। झामुमाे की 28 मई काे हाेने वाली बैठक के बाद मुख्यमंत्री हेमंत साेरेन पार्टी का निर्णय लेकर दिल्ली जायेंगे। वे  साेनिया गांधी से मुलाकात के बाद राज्यसभा चुनाव में उम्मीदवार के मामले में पत्ता खोल सकते हैं।  झामुमो महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने राज्यसभा चुनाव के लिए स्पष्ट कहा है।  झामुमो का स्वभाविक हक बनता है, इसलिए अपना प्रत्याशी देगा। कांग्रेस हमें गठबंधन धर्म के नाम पर कम नहीं आंके। कांग्रेस ने पिछले राज्यसभा चुनाव में गुरुजी जैसे कद्दावर नेता के खिलाफ कैंडिडेट खड़ा किया था। कांग्रेस को यह समझना चाहिए कि क्षेत्रीय पार्टियां ही भाजपा का मुकाबला कर रही हैं।राज्यसभा चुनाव को लेकर फिलहाल अभी संशय बरक़रार है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 May 2022

24 से 31 मई तक राज्यसभा की 2 सीटों पर चुनाव

AAP राज्यसभा भेजेगी संत बलबीर ,पद्मश्री साहनी को  आम आदमी पार्टी पर्यावरणविद संत बलबीर सीचेवाल और पंजाबी कल्चर से जुड़े पद्मश्री विक्रमजीत सिंह साहनी को राज्यसभा भेजेगी। पर्यावरणविद संत बलबीर सीचेवाल ने पर्यावरण के लिए बहुत काम किया है। उन्होंने अपने दम पर ही 160 किमी काली बेई का प्रदूषण साफ कर दिया था। उनका यह सफाई मॉडल पूरी दुनिया में मशहूर हुआ। वहीं विक्रमजीत साहनी ने कोविड के समय पंजाब के गांवों में बड़ी मदद की।  अफगानिस्तान से लौटे सिखों के पुनर्वास के लिए भी उन्होंने काफी काम किया। वह पंजाबी कल्चर से भी जुड़े हुए हैं। आपको बता दें की पंजाब में 24 से 31 मई तक राज्यसभा की 2 सीटों पर चुनाव के लिए नामांकन होना है। जिसमे 117 में से 92 विधायक होने की वजह से दोनों सीटें आप के खाते में जानी तय हैं। विक्रमजीत साहनी कारोबारी, शिक्षा शास्त्री और समाजसेवी हैं। जिनकी छवि अंतर्राष्ट्रीय स्तर की है। वह पंजाबी कल्चर से जुड़े हुए हैं। कोरोना काल में उन्होंने लोगों को ऑक्सीजन कंसटेटर और सिलेंडर मुहैया करवाए। तालिबान के कब्जे के बाद वहां से निर्वासित होकर आए 500 से ज्यादा सिख शरणार्थियों के पुनर्वास में उन्होंने अहम भूमिका निभाई। सिख युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए वह कौशल विकास पाठ्यक्रम और रोजगार दे रहे हैं। वह वर्ल्ड पंजाबी ऑर्गेनाइजेशन के इंटरनेशनल प्रेजिडेंट हैं। मॉरीशश के राष्ट्रपति से इंटरनेशनल पीस अवार्ड मिल चुका है। संत बलबीर सीचेवाल ने साल 2007 में 160 किमी काली बेई नदी को अकेले साफ कर दिया। इस नदी में 40 गांवों के लोग कूड़ा डालते थे। सीचेवाल ने 2 हजार कार्यकर्ताओं को लेकर इसे साफ किया। उन्हें पद्मश्री पुरस्कार मिल चुका है। उन्हें दुनिया के एन्वॉयरमेंट हीरो का भी किताब मिला। इसके अलावा भी केंद्र से कई पुरस्कार मिल चुके हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 May 2022

मंकीपॉक्स ने बढ़ाई देशों की मुश्किलें

 इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च की चेतावनी कोरोना के बाद अब मंकी पॉक्स ने सभी देशों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं।  जर्मनी सहित कई देशों ने इसके लिए वैक्सीन भी इकठ्ठा करनी शुरू कर दी हैं। मंकीपॉक्स का  संक्रमण लगातार तेजी से बढ़ता जा रहा है। जिसको लेकर इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने चेतावनी जारी की है। हेल्थ एजेंसी की माने तो छोटे बच्चों को इस बीमारी का खतरा ज्यादा है।   जिसके चलते इसके लक्षणों पर नजर रखनी होगी। हालांकि  भारत में मंकीपॉक्स के अभी मामले सामने नहीं आए हैं। सरकार इस संक्रमण को लेकर हाई अलर्ट पर है। गौरतलब है कि अर्जेंटीना में मंकीपॉक्स का पहला केस सामने आया। मरीज हाल ही में स्पेन की यात्रा कर लौटा है। देश में वायरस का एक संदिग्ध मरीज भी पाया गया है। इससे पहले मंगलवार को पश्चिम अफ्रीका से UAE लौटी एक महिला में भी मंकीपॉक्स की पुष्टि हुई थी। बता दें कि अब तक 21 देशों में मंकीपॉक्स के 226 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। WHO ने लगभग 100 संदिग्ध मरीज ऐसे देशों से रिपोर्ट किए गए हैं, जहां मंकीपॉक्स आमतौर पर नहीं पाया जाता है। मंकीपॉक्स का पहला मामला ब्रिटेन में 7 मई को सामने आया था। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के एडवाइजर डॉ डेविड हेमैन ने न्यूज एजेंसी AP से बातचीत में बताया था कि समलैंगिक पुरुषों में मंकीपॉक्स के संक्रमण फैलने की वजह स्पेन और बेल्जियम में हुई दो गे सेक्स पार्टीज हो सकती हैं। मंकीपॉक्स एक यौन रोग यानी सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिसीज  नहीं है।  मंकीपॉक्स के लक्षणों में पूरे शरीर पर मवाद से भरे दाने, बुखार, सूजी हुई लिंफ नोड्स, सिर दर्द, मांसपेशियों में दर्द और थकान होता है। चीन ने इससे पहले अमेरिका पर इसके फैलाने का आरोप लगाया था।  चीन पर भी अमेरिका सहित कई देशों कोरोना फैलाने का आरोप लगाया था। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 May 2022

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री को हुई जेल

आय से अधिक सम्पत्ति मामले में 4 साल की जेल     आय से अधिक संपत्ति के मामले में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला को  अदालत ने 4 साल की सजा सुनाई है।  50 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया। इससे पहले  कोर्ट में बचाव पक्ष के दिव्यांगता के आधार पर सहानुभूति रखने की दलील को स्वीकार नहीं किया। इससे पहले दिल्ली की राउज एवेन्यु कोर्ट में गुरुवार को सजा पर वकीलों की बहस के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था। चौटाला की ओर से वकील ने अदालत में दलील दी है कि उनकी उम्र 87 साल है और लंबे समय से बीमार हैं। उनके पास 60 प्रतिशत दिव्यांगता का सर्टिफिकेट है, लेकिन अब वह 90 प्रतिशत दिव्यांग हो चुके हैं। स्वास्थ्य खराब रहता हैं और अपने कपड़े भी खुद बदल नहीं पाते। इससे पहले JBT भर्ती मामले में जेल में सजा काट चुके हैं। जेल में रहते हुए 10वीं और 12वीं पास की है। वहीं, CBI के वकील ने दलील दी है कि पूर्व CM को कम सजा देने से गलत संदेश जाएगा। अदालत ने हेली रोड, पंचकूला, ,गुरुग्राम, असोला की संपत्तियां भी सीज करने के आदेश दिए। सीबीआई  के वकील अजय गुप्ता ने बताया कि आरोपी ने 10 दिन का समय दिया जाने की मांग की, ताकि मेडिकल रिपोर्ट करवाई जा सकें। परंतु कोर्ट ने कहा कि जो मेडिकल टेस्ट करवाने हैं, जेल में करवाए। सजा सुनाए जाने के बाद उन्हें कस्टडी में ले लिया गया। कोर्ट में उनके बेटे अभय चौटाला और पोते अर्जुन भी थे। अभय चौटाला ने कहा कि वे हाइकोर्ट जाएंगे। अभी वकीलों के साथ रायशुमारी करेंगे। गौरतलब है कि चौटाला को अदालत ने 21 मई को दोषी करार दिया गया था। CBI ने आय से अधिक संपत्ति के इस मामले में चौटाला के खिलाफ 106 गवाह पेश किए थे। पूर्व मुख्यमंत्री  के खिलाफ CBI ने 2005 में यह मामला दर्ज किया था। 2010 में कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की। चार्जशीट के बाद 16 जनवरी 2018 को ओपी चौटाला के बयान दर्ज हुए थे। CBI ने चौटाला और उनके बेटों के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के तीन अलग-अलग मामले दर्ज किए थे।चौटाला पर आय से अधिक संपत्ति का मामला कांग्रेसी नेता शमशेर सिंह सुरजेवाला की शिकायत पर CBI ने 2005 में दर्ज करवाया था। ओपी चौटाला की आय उनकी 3.22 करोड़ रुपए की आय से 189 प्रतिशत अधिक थी। अजय चौटाला के पास उनकी आय से 339.27 प्रतिशत अधिक संपत्ति थी। मई 1993 से मई 2006 के बीच उनकी आय 8.17 करोड़ रुपए रही।अभय चौटाला की संपत्ति 2000 से 2005 के बीच के आयकर आंकड़ों के अनुसार 22.89 करोड़ रुपए की उनकी कमाई से पांच गुना अधिक की थी। मामले में ED ने 6 करोड़ से अधिक की संपत्ति कुर्क कर ली है। इसमें दिल्ली, पंचकूला और सिरसा की प्रॉपर्टी शामिल है। चौटाला के पास कई फॉर्म हाउस हैं। जिसको सील करने के लिए कहा गया है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 May 2022

पुलिस पर पिस्टल तानने वाले शाहरुख पठान का स्वागत

  दिल्ली हिंसा के मामले में पेरोल पर आया था शाहरुख़    दिल्ली में  CAA के विरोध के दौरान कई हिंसक घटनाएं हुई।  उसमे एक प्रदर्शनकारी शाहरुख पठान ने पुलिस के सामने बंदूक तान दी थी। जिसको पुलिस ने हिरासत में लिया था।  शाहरुख पठान को अब कोर्ट ने पैरोल दे दी है।  लेकिन पैरोल पर रिहा होने वाले शाहरुख पठान का लोगों ने जोरदार स्वागत किया।  इस दौरान पड़ोसियों ने उसके समर्थन में जुलूस निकाला। वह बीमार पिता को देखने 4 घंटे के लिए घर पहुंचा था।  पुलिस भी मौजूद थी। इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।जिसमे  शाहरुख के घर के पास जुटी भीड़ उसका पीछा करते और समर्थन में नारेबाजी करते दिखाई दे रही है। कई लोग उससे हाथ मिलाने और मिलने  धक्का मुक्की तक कर रहे हैं।  आपको बताते चलें जिस शाहरुख पठान का पड़ोसियों ने इतना जोरदार स्वागत किया उसने दिल्ली में 24 फरवरी 2020 को हिंसा के दौरान हेड कॉन्स्टेबल दीपक दहिया को मारने के इरादे से उन पर पिस्तौल तान दी थी। उसके  बाद पठान फरार हो गया था। उसे 3 मार्च 2020 को उत्तर प्रदेश के शामली जिले के बस स्टैंड से गिरफ्तार किया गया था। वह फिलहाल तिहाड़ जेल में बंद है। शाहरुख के वकीलों ने कोर्ट में दलील दी थी कि मार्च में उसे एक दिन के लिए पैरोल दी गई थी। तब उसके पिता की सर्जरी होनी थी। हालांकि, शाहरुख का कहना था कि सर्जरी के लिए भर्ती होने की वजह से वह उस समय अपने पिता से नहीं मिल सका। दिल्ली में एंटी CAA प्रोटेस्ट के दौरान 3 दिन तक हिंसा हुई थी। इसमें 50 लोग मारे गए थे, जबकि 200 लोग घायल हुए थे।  अब समाज में आरोपियों का स्वागत जुलूस निकलना किस हद तक सही है ये सोचने का विषय है।  प्रोटेस्ट करना एक संविधानिक अधिकार हो सकता है।  लेकिन प्रोटेस्ट के दौरान हिंसक घटनायें करना संविधानिक अधिकार नहीं है।  सुरक्षा बालों पर पिस्टल तानना भी अधिकार में नहीं आता।  लेकिन समाज ने आरोपी को ऐसे पेश किया जैसे वह कोई बहोत बड़ा देश हित में काम करके आया हो।  समाज को इस विषय में सोचना होगा।     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 May 2022

चार दिन बाद मानसून पहुंचेगा केरल तट

  कई राज्यों में पारा  हुआ कम    मानसून का इन्तजार ख़त्म हुआ। मानसून केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम तट से फिलहाल 100 किमी दूर है। देश में 31 मई मानसून आने की उम्मीद है। दिल्ली में आज से अगले दो-तीन दिनों के अंदर गर्मी बढ़ सकती है, लेकिन लू नहीं चलेगी। जिससे लोगों को गर्म हवा के थपेड़ों से परेशान नहीं होना  31 मई तक केरल में पहुंच सकता है मानसून IMD के मुताबिक, मानसून की उत्तरी सीमा गुरुवार को मालदीव, दक्षिण-पश्चिम अरब सागर, दक्षिणी बंगाल की खाड़ी तक पहुंच गई है। बीते दिनों हुई बारिश बारिश के चलते असम के कई इलाके बाढ़ से जूझ रहे हैं। इसी बीच मौसम विभाग ने असम में आज फिर भारी बारिश की आशंका जताई है। राज्य में बारिश और बाढ़ से 30 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 7 जिलों में बाढ़ से 5.61 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हैं। विभाग के मुताबिक, आज असम-मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में आज भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के मुताबिक इसका असर आस-पास के राज्यों में भी देखने को मिलेगा। यही वजह है कि विभाग ने दक्षिण भारत के राज्यों में भारी बारिश की आशंका जताई है। वहीं बिहार, झारखंड, ओडिशा,पश्चिम बंगाल और सिक्किम में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। जून में पहले 10 दिनों के दौरान महाराष्ट्र में ज्यादा बारिश नहीं होगी। राज्य में आधे जून तक संकट बना रहेगा। प्रदेश के तालाबों में पानी का स्टोरज बहुत कम है। फिलहाल पानी संकट को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा 401 टैंकरों से जगह-जगह पानी की सप्लाई की जा रही है। गुरुवार रात से बिहार के कई जिलों में तेज आंधी के साथ बारिश हुई है।   जिससे लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिली। वहीं  उत्‍तर प्रदेश में अगले कुछ द‍िनों तक मौसम समान्‍य बना रहने की उम्मीद है।  27 मई से 30 मई तक यूपी के कई जिलों में हल्की बारिश होने की संभावना है। वहीं उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल के पर्वतीय क्षेत्र में गर्जना के साथ ओलावृष्टि, आकाशीय बिजली, झोंकेदार हवाएं चलने को लेकर येलो अलर्ट जारी किया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 May 2022

पीएम मोदी का तेलंगाना दौरा

परिवारवाद पर साधा निशाना    प्रधानमंत्री मोदी गुरुवार को तेलंगाना दौरे पर पहुंचे । जहां बेगमपेट एयरपोर्ट के पास भाजपा कार्यकर्ताओं की एक रैली में उन्होंने परिवारवाद और अंधविश्वास पर निशाना साधा। प्रधानमंत्री  ने कहा- मैं तेलंगाना की धरती से CM योगी आदित्यनाथ जी को भी बधाई देता हूं। उनको किसी ने कहा कि फलां जगह पर नहीं जाना चाहिए, लेकिन योगी जी ने कहा कि मैं विज्ञान पर विश्वास करता हूं और वो चले गए। आज वो दोबारा मुख्यमंत्री बने हैं। अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाले लोगों से हमें तेलंगाना को भी बचाना है। उन्होंने कहा कि परिवारवाद ने युवाओं से राजनीति का मौका छीना है। अंधविश्वासी लोग तेलंगाना का विकास नहीं चाहते।मोदी  ने कहा जब एक परिवार को समर्पित पार्टियां सत्ता में आती हैं, तो कैसे उस परिवार के सदस्य भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा चेहरा बन जाते हैं परिवारवादी पार्टियां सिर्फ अपना विकास करती हैं, अपने परिवार के लोगों की तिजोरियां भरती है। प्रधानमंत्री ने कहा कि दशकों तक चले तेलंगाना आंदोलन में हजारों लोगों ने अपना बलिदान दिया था। ये बलिदान तेलंगाना के भविष्य के लिए था। ये बलिदान, तेलंगाना की आन-बान-शान के लिए था। तेलंगाना आंदोलन इसलिए नहीं चला था कि कोई एक परिवार तेलंगाना के विकास के सपनों को लगातार कुचलता रहे। परिवारवाद की वजह से देश के युवाओं और प्रतिभाओं को राजनीति में आने का अवसर भी नहीं मिलता है। यह उनके हर सपनों को कुचलता है, उनके लिए हर दरवाजा बंद करता है। इसलिए, आज 21वीं सदी के भारत के लिए परिवारवाद से मुक्ति, परिवारवादी पार्टियों से मुक्ति एक संकल्प भी है। जहां- जहां परिवारवादी पार्टियां हटी हैं, वहां- वहां विकास के रास्ते भी खुले हैं। अब इस अभियान को आगे बढ़ने की जिम्मेदारी तेलंगाना के मेरे भाइयों बहनों की है। उन्होंने कहा हैदराबाद में इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस  कार्यक्रम में कहा की ISB एशिया में टॉप बिजनेस स्कूल में शामिल है। यहां के छात्रों ने कई स्टार्टअप बनाए। यह ISB के लिए उपलब्धि और देश के लिए गौरव की बात है।भारत आज डेवलपमेंट के एक बड़े सेंटर के तौर पर उभर रहा है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 May 2022

वैश्यावृत्ति को लेकर सुप्रीम कोर्ट का फैसला

सेक्स वर्कर्स के काम में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए   कुछ ऐसे सामजिक मुद्दे होते हैं जिनपर समाज बात करना नहीं चाहता।  लेकिन ये ऐसे मुद्दे होते हैं जिनपर चर्चा की जानी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को  वेश्यावृत्ति को लेकर कहा कि यह एक प्रोफेशन है। कोर्ट ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की पुलिस को आदेश दिया है कि सेक्स वर्कर्स के काम में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। पुलिस को बालिग और सहमति से सेक्स वर्क करने वाली महिलाओं पर आपराधिक कार्रवाई नहीं करनी चाहिए। जस्टिस एल नागेश्वर राव, जस्टिस बीआर गवई और जस्टिस एएस बोपन्ना की बेंच ने सेक्स वर्कर्स के अधिकारों को सुरक्षित करने की दिशा में 6 निर्देश भी जारी किए हैं। कोर्ट ने कहा,सेक्स वर्कर्स भी देश के नागरिक हैं। वे भी कानून में समान संरक्षण के हकदार हैं। सुप्रीम कोर्ट कोरोना के दौरान सेक्स वर्कर्स को आई पर परेशानियों को लेकर दायर एक याचिका पर सुनवाई कर रहा था। कोर्ट ने कहा कि सेक्स वर्कर्स भी कानून के तहत गरिमा और समान सुरक्षा के हकदार हैं। बेंच ने कहा, इस देश के हर नागरिक को संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत सम्मानजनक जीवन जीने का अधिकार मिला है। अगर पुलिस को किसी वजह से उनके घर पर छापेमारी करनी भी पड़ती है तो सेक्स वर्कर्स को गिरफ्तार या परेशान न करे। अपनी मर्जी से प्रॉस्टीट्यूट बनना अवैध नहीं है, सिर्फ वेश्यालय चलाना गैरकानूनी है।अगर सेक्स वर्कर के साथ कोई भी अपराध होता है तो तुरंत उसे मदद उपलब्ध कराएं, उसके साथ यौन उत्पीड़न होता है, तो उसे कानून के तहत तुरंत मेडिकल सहायता सहित वो सभी सुविधाएं मिलें जो यौन पीड़ित किसी भी महिला को मिलती हैं। कई मामलों में यह देखा गया है कि पुलिस सेक्स वर्कर्स के प्रति क्रूर और हिंसक रवैया अपनाती है। ऐसे में पुलिस और एजेंसियों को भी सेक्स वर्कर के अधिकारों के प्रति संवेदनशील होना चाहिए।महिला सेक्स वर्कर है, सिर्फ इसलिए उसके बच्चे को मां से अलग नहीं किया जा सकता। अगर बच्चा वेश्यालय या सेक्स वर्कर के साथ रहता है इससे यह साबित नहीं होता कि वह बच्चा तस्करी कर लाया गया है। कोर्ट ने प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया से सेक्स वर्कर्स से जुड़े मामले की कवरेज के लिए दिशा-निर्देश जारी करने की अपील की है। जिससे गिरफ्तारी, छापे या किसी अन्य अभियान के दौरान सेक्स वर्कर्स की पहचान उजागर न हो। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 May 2022

यूनिवर्सिटी में राज्यपाल की जगह CM होंगी चांसलर

पश्चिम बंगाल सरकार का फैसला  पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्र के बीच अक्सर तनातनी का माहौल बना रहता है। चुनाव के दौरान भी भाजपा और ममता बैनेर्जी के बीच संघर्ष देखा गया था।  हाल ही में पश्चिम बंगाल सरकार ने एक फैसला लिया है।  जिसके तहत चल रही सभी यूनिवर्सिटीज में अब राज्यपाल नहीं बल्कि राज्य का मुख्यमंत्री कुलाधिपति होगा। सराकर इसे अमल में लाने के लिए जल्द ही विधेयक पेश करेगी। यह जानकारी राज्य के शिक्षा मंत्री ब्रत्या बसु ने गुरुवार को दी। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य मंत्रिमंडल ने प्रस्ताव को अपनी मंजूर करने के संकेत दिए हैं। 'गुरुवार को राज्य मंत्रिमंडल ने राज्यपाल की जगह मुख्यमंत्री को सभी स्टेट यूनिवर्सिटीज का कुलाधिपति बनाने के प्रस्ताव को सहमति दे दी है। इस प्रस्ताव को जल्द ही विधानसभा में विधेयक के रूप में पेश किया जाएगा।' फिलहाल राज्यपाल ही सभी यूनिवर्सिटीज के कुलाधिपति हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 May 2022

पंजाब

टेस्ट में कम से कम 50% अंक जरूरी होंगे आम आदमी पार्टी की सरकार पंजाब में बनने के बाद कई बदलाव देखे जा रहे हैं।  एक तरफ आप की सरकार भ्रष्टाचार पर लगाम लगा रही है।  तो वहीं व्यवस्था को भी सुधारा जा रहा है। पंजाब में सरकारी नौकरी के लिए पंजाबी अनिवार्य कर दी गई है। मुख्यमंत्री  भगवंत मान ने इसकी घोषणा की  सरकारी नौकरियों के लिए पंजाबी टेस्ट अनिवार्य होगा । इसके टेस्ट में कम से कम 50% अंक जरूरी होंगे। मान ने कहा कि मां बोली पंजाबी पूरी दुनिया में हमारी पहचान है। पंजाबी को हर पक्ष से प्रफुल्लित करना हमारी सरकार का मुख्य मकसद है। पंजाब सरकार का यह आदेश ग्रुप सी और डी की सरकारी भर्ती में लागू होगा। ग्रुप सी में क्लेरिकल स्टाफ आएगा। वहीं डी में चपरासी, सफाई कर्मचारी जैसे क्लास फोर कर्मचारी आएंगे। पंजाब सरकार के इस आदेश से इन पदों पर पंजाबी मूल या फिर स्कूलों में पंजाबी पढ़ने वालों को नौकरी के ज्यादा मौके मिलेंगे। सरकार ने बेरोजगार युवाओं के लिए भर्ती निकालने का मन बनाया है।  पंजाब की मान सरकार 26,754 पदों पर सरकारी भर्ती कर रही है। इस लिहाज से यह बड़ा फैसला है। इनमें से कई पदों की भर्तियां निकाली जा चुकी हैं। वहीं कई के विज्ञापन आने बाकी हैं। पंजाबियों के बजाय बाहरी लोगों को ही यह नौकरियां न मिलें, इसके लिए मान सरकार ने यह कदम उठाया है। इन पदों पर सबसे ज्यादा गिनती ग्रुप सी और डी कैटेगरी की ही है। पंजाब सरकार बनने के बाद आप का यह फैसला महत्वपूर्ण माना जा रहा है।  आपको बताते चलें की पंजाब में कर्ज इस समय सबसे ज्यादा है।  और राजनीति के चलते आप पार्टी ने कई फ्री की घोषणाएं की हैं।  जो की अभी पूरी करनी बाकी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 May 2022

यूरोपीय देशों में फैल रहा मंकीपॉक्स

रेव पार्टी समलैंगितता ने फैलाया मंकीपॉक्स यूरोपीय देशों में मंकीपॉक्स फैलता जा रहा है। बताया जा रहा है कि यह बीमारी विकसित देशों में ज्यादा हो रही है। बीमारी के फ़ैलने के तरीके ने देशों को इस पर सोचने पर मजबूर किया कि यह बीमारी कहीं एंडेमिक से पेंडेमिक तो नहीं हो रही।  WHO  के इमर्जेंसी डिपार्टमेंट के हेड रहे डॉ डेविड हेमन ने  कहा कि स्पेन और बेल्जियम में हाल ही में दो रेव पार्टियां हुई थीं। जिसमें ड्रग्स, शराब, म्यूजिक, डांस और सेक्स सब कुछ था। माना जा रहा कि यहां हुए 'रिस्की सेक्शुअल बिहेवियर' की वजह से विकसित देशों में मंकीपॉक्स फैला है। यह बीमारी  संक्रमित लोगों से करीबी संपर्क होने पर ही फैलती है।   है। ऐसा लग रहा है कि सेक्शुअल इंटरकोर्स ने इंफेक्शन को तेजी से बढ़ा दिया है। आपको बता दें की पहली बार मंकीपॉक्स 1958 में खोजा गया था। तब रिसर्च के लिए रखे दो बंदरों में चेचक जैसी बीमारी के लक्षण सामने आए थे। इंसानों में इसका पहला मामला 1970 में चेक रिपब्लिक कॉन्गों में 9 साल के बच्चे में पाया गया था । आम तौर पर ये बीमारी रोडेंट्स यानी चूहे गिलहरी वगैरह और नर बंदरों से फैलती है। यह बीमारी कंसर्न का विषय तब बनी जब इसने यूरोपीय देशों में फैलना शुरू कर दिया।  हालांकि भारत में अभी इस बीमारी का कोई भी मरीज सामने नहीं आया है।  विश्व में करीब 100 लोगों में इस बीमारी के लक्षण दिखे हैं।  जिसमे ज्यादातर देश यूरोप के हैं।  और आशंका जताई जा रही है कि ये बीमारी समलैंगितता और रेव पार्टी से फैली है।  इतने सालों में ये बीमारी कभी भी बड़े पैमाने पर अफ्रीका के बाहर नहीं गई, लेकिन इस बार बिना अफ्रीका की ट्रैवल हिस्ट्री के विकसित देशों में मैंकीपॉक्स के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इसी नए पैटर्न की वजह से दुनिया घबराई हुई है। आपको बता दें कि  23 मई को  राजधानी मैड्रिड में अब तक 30 मामले सामने आ चुके हैं। केनरी आइलैंड पर हुए गे परेड में 80 हजार से ज्यादा लोग आए थे। हम इस गे परेड और मंकीपॉक्स फैलने के बीच के संबंध को इन्वेस्टिगेट कर रहे हैं। पुर्तगाल और स्पेन के अधिकारियों के मुताबिक ज्यादातर समलैंगिक सेक्स करने वालों में इंफेक्शन की बात सामने आई है। ये लोग सेक्सुअल हेल्थ क्लिनिक में जख्मों का इलाज कराने गए थे। उसी दौरान उनकी जांच में मंकीपॉक्स संक्रमित होने का पता चला। इस बीमारी के लक्षण चेचक जैसे ही होती है।  90 प्रतिशत लक्षण चेहरे पर दिखते है। उसके बाद हाथों और पैर फिर इंटरनल पार्ट में लक्षण देखे जा सकते हैं। मंकीपॉक्स इलाज है। इसके लिए वैक्सीन भी उपलब्ध है।  जर्मनी ने करीब 40 हजार डोज रिज़र्व कर लिए हैं।  ऐसे ही कई देशों में वैक्सीन की मांग बढ़ गई है।  वहीं चीन ने इस मामले में अमरीका को दोषी ठरते हुए कहा कि मंकी पॉक्स अमेरिका द्वारा फैलाया जा रहा है। ये बीमारी सम्पर्क में आने और जख्मो के जरिये शरीर में प्रवेश करता है।  फिलहाल इस बीमारी से मरने की खबरे अभी तक नहीं आई हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 May 2022

कपिल सिब्बल

सपा से भरा राज्यसभा का नामांकन  कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता कपिल सिब्बल ने राज्यसभा चुनाव  से ठीक पहले कांग्रेस का दामन छोड़ दिया है।  कपिल सिब्बल ने कांग्रेस की जगह समाजवादी पार्टी के समर्थन से राज्यसभा के लिए नामांकन दाखिल किया है। गौरतलब है की इससे पहले गुजरात के प्रदेश अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने कांग्रेस से इस्तीफ़ा दे दिया था।  अब कपिल सिब्बल ने भी कांग्रेस छोड़ दी है।   सिब्बल कांग्रेस हाईकमान पर लगातार सवाल उठाते आए हैं।  वे  राहुल गांधी पर सवाल उठा चुके हैं। अब शायद ही कांग्रेस उन्हें  राज्यसभा भेजती। नामांकन दाखिल करने सिब्बल सपा प्रमुख अखिलेश यादव के साथ ही राज्यसभा पहुंचे थे।  नामांकन दाखिल करने के बाद सिब्बल ने कहा कि वे 16 मई को ही कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे चुके हैं। आपको बता दें सिब्बल अभी UP से कांग्रेस कोटे से सांसद हैं।   लेकिन इस बार UP में पार्टी के पास इतने ही विधायक नहीं हैं, जो उन्हें फिर से राज्यसभा भेज सकें।  सिब्बल पिछले दिनों कांग्रेस के चिंतन शिविर में भी शामिल नहीं हुए। तभी से उनके कांग्रेस छोड़ने की अटकलें लगाईं जा रही थीं।  उन्होंने मार्च में एक इंटरव्यू के दौरान गांधी परिवार पर जमकर हमला बोला था।  बताया जा रहा है कि  3 बड़ी विपक्षी पार्टियां उन्हें अपने कोटे से राज्यसभा भेजने को तैयार थीं। उत्तर प्रदेश से सपा, बिहार से राजद और झारखंड से झामुमो सिब्बल को राज्यसभा भेजना चाहती थीं।  एक और दिलचस्प बात निकलकर जो सामने आ रही है वो कि , कांग्रेस ने पिछले दिनों चिंतन शिविर में घोषणा की थी कि  अब संगठन और अन्य पदों पर 50 साल से कम उम्र के लोगों की  हिस्सेदारी 50 %प्रतिशत होगी। कपिल सिब्बल 2004 से लेकर 2014 तक मनमोहन सिंह की सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे। सिब्बल वीपी सिंह की सरकार में एडिशनल सॉलिसिटर जनरल भी रह चुके हैं। वहीं 2016 में कांग्रेस ने उन्हें UP से राज्यसभा भेजा था। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 May 2022

 कुतुब मीनार पर सुनवाई पूरी

याचिका पर फैसला सुरक्षित ,9 जून को होगा फैसला  ज्ञानवापी , जामा मस्जिद के बाद अब कुतुब मीनार भी चर्चाओं में आ गया है।  कुतुब मीनार में पूजा के अधिकार की याचिका पर दिल्ली के साकेत कोर्ट में सुनवाई हुई।  जस्टिस निखिल चोपड़ा की बेंच ने हिंदू पक्ष की पूजा के अधिकार वाली याचिका पर फैसला अभी सुरक्षित रखा  है। इस मामले में फैसला 9 जून को होगा  कोर्ट ने दोनों पक्षों को एक हफ्ते के अंदर ब्रीफ रिपोर्ट जमा करने कहा है। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने  पूछा कि क्या अपीलकर्ता को किसी कानूनी अधिकार से वंचित किया गया है। साथ ही यह भी कहा कि अगर वहां देवता पिछले 800 साल से बिना पूजा के मौजूद हैं तो उन्हें ऐसे ही रहने दीजिए। सुनवाई के दौरान भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने लगातार कुतुब मीनार में पूजा के अधिकार वाली याचिका का विरोध किया। साकेत कोर्ट में सोमवार को दाखिल किए हलफनामे में भी कहा था कि कुतुब मीनार पूजा का स्थान नहीं है और इसकी मौजूदा स्थिति को बदला नहीं जा सकता। वहीं हिंदू पक्ष की दलील थी कि 27 मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाई गई है। जैन ने AMASR एक्ट की 1958 की धारा 16 का हवाला देते हुए कहा कि केंद्र सरकार द्वारा संरक्षित स्मारक जो पूजा स्थल या तीर्थस्थल है, उसका उपयोग उसके चरित्र के इतर किसी और काम के लिए नहीं किया जाएगा। जिसके अवशेष वहां मौजूद हैं। इसलिए वहां मंदिरों को दोबारा बनाए जाए। इसके विपरीत  मुस्लिम पक्ष का कहना है कि ASI ने कुव्व्त उल इस्लाम मस्जिद में नमाज बंद करवा दी है। हिंदू पक्ष के हरिशंकर जैन ने कहा कि परिसर में पूजा की अनुमति मिले और मूर्तियों के संरक्षण के लिए ट्रस्ट बनाई जाए। उन्होंने कहा कि आर्टिकल 25 के तहत उन्हें पूजा के संवैधानिक अधिकार से वंचित किया जा रहा है। साथ ही यह भी कहा- अयोध्या फैसले में, यह माना गया है कि एक देवता जीवित रहता है, वह कभी नहीं खोता है। अगर ऐसा है, तो मेरा पूजा करने का अधिकार बच जाता है। तर्क में कहा गया कि देश में ASI के संरक्षण वाली कई धार्मिक इमारते हैं।  जहां पूजा होती है।  इस मामले में संस्कृति सचिव गोविंद मोहन और ASI अधिकारियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने पिछले हफ्ते साइट का दौरा किया। अधिकारियों ने कहा कि यह दौरा नियमित था। केंद्रीय संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि कुतुब मीनार में खुदाई पर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है। एक और बड़ी बात जो  ASI के  पूर्व रीजनल डायरेक्टर धर्मवीर शर्मा ने कही कि कुतुब मीनार को कुतब-उद-दीन ऐबक ने नहीं बनवाया था। उन्होंने इसको लेकर 3 बड़े दावे किए थे। पहला कि कुतुब मीनार नहीं, सन टॉवर है। दूसरा कुतुब मीनार के टॉवर में 25 इंच का टिल्ट  है, क्योंकि यहां से सूर्य का अध्ययन किया जाता था। इसीलिए 21 जून को सूर्य आकाश में जगह बदल रहा था तब भी कुतुब मीनार की उस जगह पर आधे घंटे तक छाया नहीं पड़ी। यह विज्ञान है और एक पुरातात्विक साक्ष्य भी। दावा यह भी किया गया की  कुतुब मीनार एक स्वतंत्र इमारत है। इसका संबंध करीब की मस्जिद से नहीं है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 May 2022

पंजाब सीएम ने हेल्थ मिनिस्टर सिंगला को हटाया

टेंडर के बदले एक प्रतिशत कमीशन पर फसे सिंगला  पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार में करप्शन का खेल हो गया।  स्वास्थ्य मंत्री रहे डॉ. विजय सिंगला को कैबिनेट ने इस मामले में बर्खास्त कर दिया है। बर्खास्तगी के बाद पंजाब पुलिस के एंटी करप्शन विंग ने सिंगला के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है की सिंगला स्वास्थ्य विभाग में हर काम और टेंडर के बदले 1% कमीशन मांग रहे थे। अब इसमें सबसे ज्यादा अहम् और खास बात यह है की पंजाब का स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए विजय सिंगला ने 23 मार्च को कहा था कि वे भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं करेंगे। करप्शन पर जीरो टॉलरेंस रहेगा।  उस बयान के ठीक दो महीने बाद सीएम भगवंत मान ने करप्शन के मामले में ही उन्हें पद से हटा दिया। बताया जा रहा है कि  सिंगला के भ्रष्टाचार की शिकायत सीएम से की गई थी।  जिसके बाद सीक्रेट तरीके से जाँच कराई गई। अब  मंत्री ने गलती भी स्वीकार कर ली है। इसको लेकर  AAP के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मुख्यमंत्री भगवंत मान की तारीफ की  है। पंजाब पुलिस के विजिलेंस विंग ने मंत्री सिंगला के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसके मुताबिक मंत्री और उनके करीबियों ने टेंडर में 1% कमीशन की मांग की थी। अफसर ने इसकी शिकायत सीएम भगवंत मान को की। 14 मई को सीएम मान के पास इसके बारे में जानकारी पहुंची। इसके बाद मान ने अफसर को भरोसे में लिया। कमीशन मांगने की रिकॉर्डिंग करवाई गई। जिसमें मंत्री और उनके करीबियों की कमीशन मांगने की रिकॉर्डिंग हो गई। जिसके बाद मंत्री को बुलाकर मान ने उनके सामने यह सबूत दिया। बताया जा रहा है की  टेंडर के बदले शुक्राना कह कमीशन मांगा गया था। इसमें मंत्री के करीबी रिश्तेदार भी शामिल है।  कमीशनखोरी में शामिल रिश्तेदारों और करीबियों पर भी कार्रवाई शुरू हो गई है।  वहीं अब इस घटना के बाद  नए हेल्थ मिनिस्टर पर फैसला हो होगा। 9 मंत्रियों में यह पद किसी और को दिया जा सकता है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 May 2022

केंद्र उज्वला योजना के तहत देगी सब्सिडी

 नौ करोड़ लाभार्थियों को मिलेगा सब्सिडी लाभ  उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को प्रति सिलेंडर 200 रुपये की सब्सिडी देने का ऐलान मोदी सरकार ने किया है। जिसमे करीब नौ करोड़ लाभार्थियों को 12 सिलेंडर तक सब्सिडी दी जाएगी। यह खबर आम उपभोक्ताओं के लिए बड़ी राहत देने वाली है।  गौरतलब है की इस महीने घरेलू रसोई गैस के दाम दो बार बढ़ चुके हैं। ताजा फैसले से सरकारी खजाने पर लगभग 6,100 करोड़ रुपये का बोझ आएगा। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने फैसले के बाद ट्वीट किया, इस चुनौतीपूर्ण वैश्विक स्थिति में भी पीएम नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क कम करके और 200 रुपये प्रति गैस सिलेंडर सब्सिडी देकर आम लोगों को बड़ी राहत दी है। यह घोषणा पेट्रोल और डीजल से उत्पाद शुल्क घटाने के साथ आई। बता दें, सरकार ने शनिवार को पेट्रोल पर लगने वाले उत्पाद शुल्क में आठ रुपये और डीजल पर छह रुपये की कटौती करने की घोषणा की। जिसके बाद सभी राज्यों में पेट्रोल डीजल के दाम कम हो गए हैं।  अब अगर राज्य भी वैट में कमी करते हैं तो आम आदमी को और राहत मिलेगी। पेट्रोल व डीजल की कीमतों में इस कटौती से ट्रांसपोर्ट खर्च में कमी आएगी और खाद्य वस्तुओं की कीमतों में भी राहत मिलेगी। भाजपा  नेताओं ने केंद्र के इस फैसले पर खुशी जाहिर की है। आपको बताते चलें अप्रैल में खुदरा महंगाई दर 7.79 प्रतिशत के साथ आठ साल के अधिकतम और थोक महंगाई दर 15.08 प्रतिशत के साथ नौ साल के अधिकतम स्तर पर पहुंच गई। अब सरकार के इस फैसले के बाद केंद्र पर वित्त का दबाव बढ़ेगा।  लेकिन जनता को कुछ राहत मिल सकेगी।  भाजपा शासित राज्यों ने इस पर कांग्रेस को लेकर घेरा है। भाजपा नेताओं का कहना है की कांग्रेस शासित राज्यों को भी टैक्स में छूट देनी चाहिए।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 May 2022

सीएम नितीश

72 घंटे तक विधायक बाहर न जाएं   बिहार में सियासी माहौल गर्म है।  विधायकों को मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार ने कहा कि अगले 72 घंटे पटना से बाहर नहीं जाएं विधायक। नीतीश कुमार ने 27 मई को ऑल पार्टी मीटिंग बुलाई है। माना जाता है की जातीय जनगणना पर आम राय बनाई जाएगी।  इसलिए  अगले 72 घंटे तक सारे विधायक पटना में ही रहेंगे। वे बाहर नहीं जाएं। इस फरमान के बाद सियासत में तरह-तरह की चर्चा शुरू हो गई है। राज्यसभा चुनाव से पहले बिहार की सियासत में बड़े बदलाव के संकेत मिल रहे हैं। हाल ही में नितीश कुमार आरजेडी के तेजस्वी यादव से मिले थे।  बड़ी देर तक चर्चा भी हुई थी। जिसको लेकर वे भाजपा के निशाने पर भी आये थे। भाजपा नेताओं ने यहां तक कहा था की नितीश एक बार आरजेडी से गठजोड़ कर देख चुके हैं।  कहा ये भी जा रहा है की जेडीयू के भीतरखाने से ही बगावत की खबर आ रही है। नीतीश कुमार केंद्रीय मंत्री आरसीपी  सिंह को दोबारा राज्यसभा नहीं भेजना चाहते हैं।  ऐसे में पार्टी के भीतरखाने से ये चर्चा भी बाहर आने लगी है कि अगर RCP का पत्ता कटता है तो वो पार्टी को तोड़ सकते हैं। वो अपने खेमे के विधायकों के साथ अलग जा सकते हैं। राजनीतिक जानकारों की माने तो CM नीतीश कुमार कल राजगीर जाएंगे। और  जब-जब नीतीश राजगीर दौरे पर जाते हैं कुछ न कुछ राजनीतिक हलचल होती है।  यही कारण है कि JDU के आला नेता किसी भी डैमेज से पहले अपनी तैयारी पुख्ता कर लेना चाहते हैं। इसी के तहत JDU के विधायकों से दस्तखत कराने की बात भी निकल कर सामने आ रही है। इसके अलावा वैसे विधायक जो RCP की जगह चुने गए दूसरे नेता का समर्थन करेंगे उन्हें पटना में ही रुकने की बात कही जा रही है। उधर पूरे मामले में बीजेपी ज्यादा कुछ बोलने को तैयार नहीं है।  जेडीयू इस खबर को अफवाह बताने में लगी हुई है।  इस फरमान को जातिगत जनगणना स जोड़ा जा रहा है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 May 2022

ज्ञानवापी मस्जिद मामले में जिला अदालत सुनवाई

पक्ष सुनने के बाद मंगलवार तक सुनवाई टली  उत्तरप्रदेश के वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद मामले में जिला अदालत में पहले दिन सुनवाई हुई। करीब 40 मिनट की सुनवाई में जज ने दोनों पक्षों को सुना इसके बाद सुनवाई मंगलवार तक के लिए टाल दी गई । सोमवार को दोपहर 2 बजे से सुनवाई शुरू हुई। जिला जज डॉ. अजय कृष्ण विश्वेस की अदालत में मां श्रृंगार गौरी की दैनिक पूजा-अर्चना की अनुमति और अन्य देवी-देवताओं के विग्रहों को संरक्षित करने को लेकर दोनों पक्षों में बहस  हुई। अभी तक  कुल मिलाकर 4 याचिकाएं हैं। सुनवाई से पहले कोर्टरूम खाली करवाया गया। यहां सिर्फ 23 लोगों को रहने की अनुमति डी गई।  जो केस से जुड़े लग थे ।  इसी दौरान पूर्व कोर्ट कमिश्नर अजय मिश्रा को अदालत में जाने की अनुमति नहीं मिली। 23 लोगों की लिस्ट में उनका नाम नहीं था। अजय मिश्रा ने ही पहले दौर की वीडियो ग्राफी की थी। मुस्लिम पक्ष ने अजय मिश्रा के खिलाफ शिकायत की थी। इसके बाद जिरह शुरू हुई। जज ने कोर्ट कमिश्नर विशाल सिंह को बुलाया गया। विशाल सिंह ने ही वीडियोग्राफी की थी और निचली अदालत में पेश की थी। जिला जज सर्वे की कॉपी के महत्वपूर्ण बिंदु पढ़े गए। सुनवाई के दौरान 1991 वर्शिप एक्ट का जिक्र हुआ। मुस्लिम पक्ष का कहना है कि हिंदू पक्ष की सभी याचिकाएं खारिज कर दी जाए। क्योंकि ये याचिकाएं 1991 वर्शिप एक्ट के खिलाफ हैं। हिंदू पक्ष की ओर से इस संबंध में वकील विष्णु जैन ने दलीलें पेश की। मंगलवार को जज यह तय करेंगे कि वे किस क्रम में याचिकाएं सुनी जाएं।  और सुनवाई की अगली तारीख क्या हो? मंदिर पक्ष ने अदालत से तहखाने की दीवार और मलबा हटाकर वीडियोग्राफी कराने की मांग की है। शिवलिंग की लंबाई, चौड़ाई और ऊंचाई की बाबत रिपोर्ट भी मंगाने की अपील की है। जिला शासकीय अधिवक्ता  महेंद्र प्रसाद पांडेय ने वजूखाने की मछलियों की जीवनरक्षा के लिए उन्हें अन्यत्र स्थानांतरित करने का आग्रह किया है।सील किए गए क्षेत्र में चारों तरफ पाइप लाइन व नल लगे हैं। इसका उपयोग नमाजी वजू के लिए करते हैं। पाइपलाइन को भी सील क्षेत्र से हटाने की मांग की है। दोनों प्रार्थनापत्रों पर मस्जिद पक्ष ने आपत्ति दाखिल की है। वहीं मस्जिद पक्ष का ये भी कहना है की अगर दीवार तोड़ी गई तो पूरी मस्जिद ढह सकती है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 May 2022

पीएम मोदी की जापान यात्रा

 क्वाड में शामिल होने पहुंचे मोदी का स्वागत  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय यात्रा पर जापान पहुंचे। जहां पीएम का जापान में जोरदार स्वागत किया गया।  भारतीय मूल के लोगों ने पीएम मोदी का जोरदार स्वागत किया। पीएम मोदी क्वॉड नेताओं के एक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने गए हैं। जो प्रभावशाली समूह के सदस्य देशों के बीच सहयोग को और मजबूत बनाने तथा हिंद-प्रशांत क्षेत्र से संबंधित घटनाक्रमों पर चर्चा करने पर केंद्रित है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट किया, ‘‘नमस्कार, तोक्यो। प्रधानमंत्री नरेंद्र के पहुंचने पर तोक्यो में उनका गर्मजोशी से स्वागत किया गया। यह पिछले आठ साल में जापान की उनकी पांचवीं यात्रा है।’’प्रधानमंत्री मोदी ने टोक्यो में होटल के बाहर बच्चों से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने एक बच्ची की चित्रकारी भी देखी और उसे ऑटोग्राफ दिया। मोदी ने तिरंगे का चित्र लिए एक लड़के से भी बात की। उन्होंने लड़के से पूछा कि उसने हिंदी कहां से सीखी है और भाषा पर अच्छी पकड़ के लिए उसकी तारीफ की।मोदी ने जापान में भारतीय समुदाय के साथ संवाद के बाद ट्वीट किया, ‘‘जापान के भारतीय समुदाय ने विभिन्न क्षेत्रों में अग्रणी योगदान दिया है। वे भारत में अपनी जड़ों से भी जुड़े रहे हैं। मैं गर्मजोशी से स्वागत करने के लिए जापान में रह रहे भारतीय समुदाय के लोगों का आभार जताता हूं।’’ टोक्यो  में 24 मई को होने वाले क्वाड शिखर सम्मेलन में मोदी के अलावा अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन, जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथनी अल्बानीस हिस्सा लेंगे। जापान के प्रधानमंत्री के आमंत्रण पर टोक्यो पहुंचे मोदी शिखर सम्मेलन में  बाइडन, किशिदा और अल्बानीस के साथ अलग-अलग द्विपक्षीय वार्ता भी करेंगे। मोदी भारत और जापान के बीच आर्थिक सहयोग उनकी विशेष रणनीतिक एवं वैश्विक साझेदारी पर बात करेंगे।  उन्होंने  यह भी कहा कि वह ऑस्ट्रेलिया के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री एंथनी अल्बानीस के साथ द्विपक्षीय वार्ता को लेकर उत्साहित हैं। जापान में भारतीय समुदाय के करीब 40,000 लोग रहते हैं।  जिनकी जापान के साथ भारत के संबंधों में महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि वह इन लोगों से मुलाकात करने को लेकर बेहद उत्साहित हैं। इस यात्रा के कई मायने निकाले जा रहे हैं।  पीएम मोदी यह यात्रा तब कर रहे हैं जब यूक्रेन रूस के बीच युद्ध जारी है।  क्वाड में अमेरिका के प्रेजिडेंट भी  शामिल होंगे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 May 2022

राज ठाकरे

 पुणे रैली में पीएम मोदी से जल्द लागू करने की अपील  पुणे में महाराष्ट्र नव-निर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने रैली को संबोधित किया। गणेश कला क्रीड़ा मंच में हुए इस कार्यक्रम में राज ठाकरे ने अपने अयोध्या दौरे के रद्द होने के साथ ही लाउडस्पीकर विवाद और यूसीसी यानी यूनिफॉर्म सिविल कोड पर अपनी बात रखी। राज ठाकरे  ने कहा कि लाउडस्पीकर आंदोलन एक दिन का नहीं है। यह चलता रहेगा। वहीं उन्होंने यूनिफाम सिविल कोड की बात भी कही। साथ ही कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कानून लाया जाना चाहिए। उन्होंने पीएम मोदी से अपील की है  कि जल्द से जल्द समान नागरिक संहिता लाई जाय।  जनसंख्या नियंत्रण पर भी कानून लाए और औरंगाबाद का नाम संभाजीनगर कर दिया जाए।उन्होंने कहा  राणा दंपत्ति ने कहा था की  मातोश्री में हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। क्या मातोश्री एक मस्जिद है? बाद में शिवसैनिकों और राणा दंपत्ति के बीच क्या हुआ, यह तो सभी जानते हैं। राणा दंपत्ति ने संजय राउत के साथ बैठकर लंच किया। उन्होंने कहा मेरी  अयोध्या यात्रा स्थगित होने पर कुछ लोग बहोत खुश थे। मैंने जानबूझकर बयान दिया ताकि सभी को अपनी प्रतिक्रिया देने की अनुमति मिल सके। जो लोग मेरी अयोध्या यात्रा के खिलाफ थे, वे मुझे फंसाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन मैंने इस विवाद में नहीं पड़ने का फैसला किया। वहीं  पुणे पुलिस ने चेतावनी जारी की है। पुणे पुलिस ने कहा है कि राज ठाकरे को अपने संबोधन के जरिए किसी समुदाय का अपमान नहीं करना चाहिए। पुणे पुलिस ने इसके साथ ही कुल 13 शर्तों के साथ आयोजन की अनुमति दी है। सरकारी आदेश में कहा गया है कि उल्लंघन करने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। रैली में भाग लेने वालों को आत्म-अनुशासन का पालन करना चाहिए। आयोजकों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे आक्रामक नारे न लगाने दें। सभागार की क्षमता पर उपस्थित लोगों की संख्या को सीमित किया जाना चाहिए और उच्चतम न्यायालय द्वारा निर्धारित शोर मानदंडों का पूरी तरह से पालन किया जाना चाहिए। महाराष्ट्र की शिवसेना, की साझा सरकार को चिंता है कि राज ठाकरे की  बयानबाजी प्रदेश का माहौल बिगाड़ सकती है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 May 2022

हार्दिक पटेल

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा  गुजरात में विधानसभा चुनाव नजदीक हैं।  ऐसे में हार्दिक पटेल का गुजरात कांग्रेस अध्यक्ष पद से सतीफा देना कांग्रेस के लिए बड़ा झटका है।  कयास लगाए जा रहे हैं हार्दिक के जाने से एक तरफ बीजेपी खुश है तो दूसरी ओर आप में भी ख़ुशी का माहौल है।  गुजरात विधानसभा चुनाव इस साल के आखिर में होने वाले हैं उसके  6 महीने पहले ही उथल-पुथल शुरू हो गई है। हार्दिक पटेल सुर्खियों में तब आये थे जब उन्होंने पाटीदार आंदोलन किया था।  और पाटीदारों के लिए आरक्षण की मांग की थी। उस समय हार्दिक चर्चा का विषय बने हुए थे।  कांग्रेस को उन्होंने चुनाव में समर्थन भी दिया था। लेकिन पार्टी को जिता नहीं पाए थे। अब  गुजरात के युवा चेहरे हार्दिक पटेल ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। हार्दिक गुजरात कांग्रेस में कार्यकारी अध्यक्ष के पद पर थे। हार्दिक इन दिनों कांग्रेस से काफी खफा हैं और तरह तरह के आलाकमान सहित स्तर पर आरोप भी लगा रहे हैं।  हार्दिक पटेल की राज्य नेतृत्व से नाराजगी किसी से छिपी नहीं थी। वह बीते कई रोज से खुलकर बयानबाजी कर रहे थे। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे पत्र में हार्दिक पटेल ने पार्टी छोड़ने की कई वजह गिनाई हैं। अपने लेटर में हार्दिक ने शीर्ष नेतृत्व से किसी भी मुद्दे को गंभीरता से न लेने की बात भी कही। आगे जानिए चुनाव से पहले हार्दिक ने क्यों छोड़ी कांग्रेस- हार्दिक पटेल की पहली नाराजगी इस बात को लेकर थी कि वह पिछले दो साल से कांग्रेस की गुजरात इकाई के कार्यकारी अध्यक्ष हैं। लेकिन कोई जिम्मेदारी नहीं सौंपी गई। दो साल से वर्किंग प्रेजिडेंट बनाया गया।  कोई जिम्मेदारी नहीं दी गई। हार्दिक पटेल ने कहा  पद देना कोई बड़ी बात नहीं होती, उस पद के बाद उपयोग करना, काम देना, उस काम में मैं सफल हूं या असफल यह देखना। वो आपकी जिम्मेदारी होती है। जो आज तक नहीं हुआ बस इसी का दुख है। हार्दिक पटेल को लेकर कांग्रेस की गुजरात इकाई में सबकुछ सामान्य नहीं था। हार्दिक भी अक्सर राज्य नेतृत्व के कामकाज पर सवाल उठा चुके हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें इग्नोर किया गया। जरूरी मीटिंग में नहीं बुलाया गया। एक टीवी इंटरव्यू में उन्होंने कांग्रेस के पोस्टर में उनकी तस्वीर न होने पर भी नाराजगी जताई। उन्होंने कहा था, 'पूरे गुजरात में एक ही वर्किंग प्रेजिडेंट है, उसकी फोटो भी नहीं लगा सकते तो पद क्यों दिया है।'हार्दिक इससे भी नाराज थे की  नरेश पटेल को कांग्रेस में शामिल किया जा रहा था ।  जिससे  कांग्रेस में आने पर पाटीदार नेता के रूप में उनका दबदबा खत्म हो जाएगा। जानकारों की माने तो गुजरात कांग्रेस के प्रभारी डॉ. रघु शर्मा से भी हार्दिक पटेल के संबंध सहज नहीं थे। हार्दिक के नरेश पटेल के मामले में कांग्रेस आलाकमान के फैसले पर सवाल उठाना रघु शर्मा को पसंद नहीं आया था। उन्होंने राहुल गांधी से भी इसका जिक्र किया था। दरअसल हार्दिक पटेल की गांधी परिवार से नजदीकी थी जबकि स्टेट कमान उन्हें उतना सम्मान देने को तैयार नहीं था।हार्दिक को  गुजरात कांग्रेस के महत्वपूर्ण फैसलों में  शामिल नहीं किया गया। गुजरात कांग्रेस में महासचिव और उपाध्यक्ष, जिला अध्यक्षों की नियुक्ति के दौरान भी हार्दिक की राय नहीं ली गई। उन्हें आयोजनों में भी शामिल नहीं किया गया। इस पर हार्दिक ने अपनी नाराजगी जाहिर की थी।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 May 2022

पूर्व पीएम राजीव गांधी हत्याकांड

सुप्रीम कोर्ट ने ए. जी. पेरारिवलन को किया रिहा भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्याकांड मामले में नया मोड़ आया।  बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने एक बड़ा फैसला सुनाया । 31 साल से जेल में बंद हत्या की साजिश करने वाले ए. जी. पेरारिवलन को रिहा कर दिया गया । इसमें धारा 142 और 161 का विशेष उपयोग किया गया।  पेराविलन ने मानवीयता के आधार पर इस मामले में याचिका दाखिल की थी। कांग्रेस ने पेररिवलन की रिहाई को लेकर  केंद्र सरकार पर निशाना साधा है।  पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी बताएं कि क्या यही राष्ट्रवाद है। गौरतलब है की राजीव गांधी की हत्या 21 मई 1991 को तमिलनाडु के श्रीपेरंबुदूर में एक बम धमाके में हुई थी। धमाके में उपयोग किए गए दो 9 वोल्ट की बैटरी खरीद कर मुख्य दोषी शिवरासन को देने के आरोप में ए. जी. पेरारिवलन को दोषी ठहराया गया था। इसके बाद से पेररिवलन को फांसी फिर उम्र कैद की सजा हुई।  सुप्रीम कोर्ट ने पेरारिवलन को रिहा करने के लिए अनुच्छेद 142 का उपयोग किया । इसके तहत कोर्ट किसी भी मामले में कंप्लिट जस्टिस के लिए अपनी शक्ति का उपयोग करता है। जिसे कोर्ट की विशेष शक्ति के तौर पर भी जाना जाता है।  आपको बता दें यह सिर्फ दया का मामला नहीं था।  कोर्ट से राहत मिलने के बाद पेररिवलन ने कहा कि मैं 31 साल से संघर्ष कर रहा हूं। अब बाहर आऊंगा और हम अपनी नई जिंदगी की शुरुआत करेंगे। उन्होंने कहा कि इस मामले में मृत्युदंड की आवश्यकता नहीं है। यह सिर्फ दया का मामला नहीं है। कोर्ट ने भी ऐसा माना है। इससे पहले मामले में सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि अगर सरकार कानून का पालन नहीं करेगी, तो हम आंख मूंद नहीं सकते हैं। साथ ही कहा था कि राज्यपाल कैबिनेट के फैसले को मानने के लिए बाध्य है।  लेकिन अब तक इसे अमल में नहीं लाया गया है। दरअसल मृत्यु दंड को माफ़ करने की शक्ति राष्ट्रपति के पास होती है।  और उम्र कैद को राज्यपाल ताल सकते हैं।  लेकिन इस मामले में राज्यपालों ने लेट लतीफ़ की।  जिसपर कोर्ट ने अपनी शक्ति का उपयोग करते हुए धरा 142 के तहत पेररिवलन को जेल से रिहा कर दिया।  थोड़ा अगर विस्तार से समझे तो इस मामले में पहले जयललिता और ए. के. पलानीसामी ने तमिलनाडु कैबिनेट में 2016 और 2018 में दोषियों को रिहा करने की सिफारिश की थी, लेकिन राज्यपालों ने इसे नहीं माना था। आखिर में इसे राष्ट्रपति के पास भेज दिया गया था। पेररिवलन चूंकि तमिल समुदाय से ताल्लुक रखते हैं।  लिहाजा उनकी तरफ तमिल समाज का झुकाव रहा है।  और वे पेररिवलन के किसी कार्य को भुला देना चाहते थे , जो श्रीलंका में तमिलों की हत्या के बाद पेररिवलन ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या मामले में किया।  पेरारिवलन को 1998 में टाडा अदालत ने मौत की सजा सुनाई थी। साल 1999 में सुप्रीम कोर्ट ने सजा को बरकरार रखा, लेकिन 2014 में इसे आजीवन कारावास में बदल दिया गया। राहत नहीं मिलने के बाद पेरारिवलन और अन्य दोषियों ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया। दोषियों ने दलील दी कि 16 साल से ज्यादा की सजा भुगतने के बाद भी अन्य दोषियों की तरह उन्हे छूट से वंचित कर दिया गया है। अब तक वे तीन दशक तक जेल की सजा काट चुके हैं। करीब 31 साल पेररिवलन की रिहाई से जहां वो खुश नजर आये वहीं कांग्रेस ने इस फैसले पर ऐतराज जताया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 May 2022

दिल्ली हाईकोर्ट

वैवाहिक बलात्कार आपराधिक श्रेणी में नहीं  दिल्ली हाईकोर्ट ने वैवाहिक बलात्कार को अपराध घोषित करने के मामले पर खंडित फैसला सुनाया। दो बेंच की खंडपीठ में दोनों न्यायाधीशों के मतों में अंतर दिखा। एक न्यायाधीश ने इस प्रावधान को समाप्त करने का समर्थन किया।तो दूसरे न्यायाधीश ने इसे असंवैधानिक बताया ,क्या है वैवाहिक बलात्कार , क्यों आईपीसी की धारा 375 चर्चाओं में है। आइये जानते हैं।  कई बार देखा गया है की लोग ऐसे सामाजिक मुद्दों से बचते नजर आते हैं।  तर्क होता है समाज का माहौल खराब होगा। लेकिन वास्तविकता में ये ही वो सामाजिक मुद्दे हैं।  जिन पर चर्चा की जानी चाहिए।  चर्चा के साथ इनका हल निकलना चाहिए। हालांकि ये इतना आसान नहीं होता है  . क्यूंकि इसमें बहुत सारे पहलू काम करते हैं  ... दरअसल लॉर्ड मैकाले की सिफारिश पर 1860 में भारतीय दंड संहिता की धारा 375 .  यानी बलात्कार के तहत वैवाहिक बलात्कार के अपवाद की संवैधानिकता को  इस आधार पर चुनौती दी गई थी की  IPC धारा 375 का क्लॉज़ 2   उन विवाहित महिलाओं के साथ भेदभाव करता है , जिनका उनके पतियों द्वारा यौन उत्पीड़न किया जाता है।  इस अपवाद के अनुसार, यदि पत्नी नाबालिग नहीं है, तो उसके पति का उसके साथ यौन संबंध बनाना।  या यौन कृत्य करना बलात्कार की श्रेणी में नहीं आता , खंडपीठ की अगुवाई कर रहे जस्टिस राजीव शकधर ने वैवाहिक बलात्कार के अपवाद को समाप्त करने का समर्थन किया।  जबकि न्यायमूर्ति सी हरिशंकर ने कहा कि  ...  भारतीय दंड संहिता के तहत प्रदत्त यह अपवाद असंवैधानिक नहीं है।  जस्टिस शकधर ने निर्णय सुनाते हुए कहा, ‘जहां तक मेरी बात है, तो विवादित प्रावधान धारा 375 का अपवाद दो ,  संविधान के अनुच्छेद 14  जिसमे कानून के समक्ष समानता, अनुच्छेद 15 धर्म, नस्ल, जाति, लिंग या जन्म स्थान के आधार पर भेदभाव का निषेध , 19 (1) (ए)  जो की बोलने  और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार देता है साथ ही अनुच्छेद 21 जो की जीवन और व्यक्तिगत स्वतंत्रता का अधिकार देता है … उसका उलंघन है  ...  इसलिए इन्हें समाप्त किया जाता है.’  वहीं जस्टिस शकधर ने कहा कि उनकी घोषणा निर्णय सुनाये जाने की तारीख से प्रभावी होगी  ... लेकिन जस्टिस शंकर ने कहा, ये प्रावधान संविधान के अनुच्छेद 14, 19 (1) (ए) और 21 का उल्लंघन नहीं करते।  उन्होंने कहा कि अदालतें लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित विधायिका के दृष्टिकोण के स्थान पर अपने व्यक्तिपरक निर्णय को प्रतिस्थापित नहीं कर सकतीं।  क्या है  केंद्र सरकार की दलील | केंद्र ने 2017 के अपने हलफनामे में दलीलों का विरोध करते हुए कहा था कि  वैवाहिक बलात्कार को आपराधिक श्रेणी में नहीं रखा जा सकता है। क्योंकि यह एक ऐसी घटना बन सकती है, जो विवाह की संस्था को अस्थिर कर सकती है।  और पतियों को परेशान करने का एक आसान साधन बन सकती है।  हालांकि, केंद्र ने इस  याचिका पर अपने पहले के रुख पर ‘फिर से विचार’ करने की बात कही है।    अब मैरिटल रेप को लेकर इसमें तर्क दिया जाता है की, अगर यह दंडनीय अपराध हुआ तो महिलाएं पुरुषों पर आए दिन ऐसे आरोप लगाती रहेंगी।   ipc की धारा 498 के तहत घरेलू हिंसा दंडनीय अपराध है।   महिला  के सम्मान को किसी तरह चोट पहुंचाना  दंडनीय अपराध है।   यदि कोई महिला आरोप लगाती है तो  जेल का प्रावधान है|लेकिन महिला के साथ पति बलात्कार करे तो इसमें  सजा का प्रावधान नहीं है।  यानी बदसलूकी पर जेल लेकिन बलात्कार पर कोई सजा नहीं।  क्या कहते हैं आंकड़ेनेशनल  हेल्थ फैमिली सर्वे के अनुसार देश में 24 प्रतिशत महिलाओं को घरेलू हिंसा का सामना करना पड़ता है।   एक्सपर्ट्स का मानना है की कई बार मामले सामने इसलिए नहीं आते की समाज क्या कहेगा।  ऐसी बुराई जिसको समाज के डर से कोई बाहर नहीं लाना चाहता।   कई  पुरुषों का तो यहाँ तक मानना है की पत्नी के साथ जबरन सेक्स करना पति का अधिकार है।  प्रदेश जो इन बुराइयों में आगे हैं  पत्नियों के खिलाफ यौन हिंसा में  बिहार - 98 % , जम्मू कश्मीर  97 % ,  आंध्र प्रदेश 96 % ,   मध्य प्रदेश  96 % ,  उत्तर प्रदेश और फिर हिमाचल प्रदेश  .. हेल्थ सर्वे के अनुसार . यौन उत्पीड के   99 % मामले दर्ज नहीं होते।   नेशनल क्राइम रिपोर्ट ब्यूरो के अनुसार  हर दिन 88 रेप भारत में होते हैं।  अब ये भी समझ लेते हैं की  दुनिया में मैरिटल रेप के लिए क्या कानून बने हैं।  पूरी दुनिया में पोलैंड में 1932 मैरिटल रेप को अपराध घोषित किया।  हालांकि उससे पहले रूस ने भी इसपर कानून बनाए थे।   उसके बाद 1993 में अमेरिका ,1986 यूरोपीय संसद , यहाँ तक की नेपाल ने 2002 में इसे अपराध की श्रेणी में डाला।  इसमें सजा का प्रावधान है।  कुल मिलाकर 77 देशों में अपराध को लेकर स्पष्ट कानून है।  लेकिन भारत उन 34 देशों में हैं जिसमें मैरिटल रेप को अपराध  नहीं माना है।क्या इसके पीछे महिलाएं भी जिम्मेदार ?मैरिटल रेप में कानून न बनने के पीछे जितना पुरुष जिम्मेदार है।  उतना ही दोष महिलाओं का भी है।  कोर्ट में ऐसे कई मामले आये हैं जहाँ महिलाओं ने ipc की धारा  498 सहित कई धाराओं का गलत उपयोग किया है। उसका दुरुपयोग ज्यादा हो रहा है।  फिर चाहे ससुराल पक्ष और पति  को फ़साने का हो या अन्य तरह के झूठे प्रकारन। महिलाओं को भी समझना होगा  की  क़ानून आपको सुरक्षा देने के लिए बना है।   इसको हथियार की तरह उपयोग न करें।  कानून का सम्मान करें।  पुरुष समाज के डरने का  ये सबसे बड़ा कारण है।  बहरहाल हाई कोर्ट का फैसले में विभिन्नता के बाद  याचिका कर्ताओं के पास सुप्रीम कोर्ट जाने का रास्ता अभी खुला है।  मध्यप्रदेश  के आंकड़े क्या कहते हैं  मध्यप्रदेश की बात करें तो नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB)  के मुताबिक़  जबरन शादी के लिए मजबूर करने के लिए  2020 में एक हज़ार से ज़्यादा लोगों का अपहरण किया गया।  वहीं छत्तीसगढ़ में  में सिर्फ 59 मामले दर्ज किए गए।  एनसीआरबी की के  आंकड़ों के मुताबिक 2020 में मध्यप्रदेश में जबरन शादी के लिए मजबूर करने के 1025 मामले दर्ज हुए।   ये सभी मामले आईपीसी की धारा 366 के तहत दर्ज किए गए।  रिपोर्ट के मुताबिक 2020 में  सबसे ज्यादा मामले यूपी, बिहार, असम, पंजाब और राजस्थान में दर्ज हुए हैं।  मध्यप्रदेश में 2020 और 2021 के बीच महिलाओं के खिलाफ हिंसा और उत्पीड़न की 1900 शिकायतें महिला आयोग तक पहुंची। कोरोना संक्रमण काल में भी महिलाओं के खिलाफ हिंसा और उत्पीड़न का मामला नहीं रुका।  आंकड़ों के मुताबिक महामारी में भी कुल 54587 शिकायतें राष्ट्रीय महिला आयोग को मिली थी।  तो कुल मिलाकर मैरिटल रेप अपराध की श्रेणी में  फिलहाल तो नहीं आता। आगे आने वाले समय में सुप्रीम कोर्ट में जब इससे संबंधित याचिका जाएगी।  उसके बाद ही कोई निर्णय हो पायेगा।  लेकिन समाज को कानून के डर  से नहीं खुद से आत्ममंथन करने की जरूरत है।  पुरुषों और महिलाओं दोनों को को इसके बारे में सोचना होगा। कानून को आत्मरक्षा  के लिए उपयोग करने की जरूरत है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 May 2022

राहुल गांधी का विवादित बयान

राहुल गांधी ने कहा कि देश में हालात ठीक नहीं  लंदन में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार को कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में "आइडियाज फॉर इंडिया" सम्मेलन में यूक्रेन की तुलना भारत के लद्दाख और डोकलाम से की।  जिसके बाद एक  नया विवाद खड़ा हो गया ।  कार्यक्रम में राहुल ने कहा कि दोनों जगह चीन की सेना भारत की सीमा के अंदर बैठी है।  चीन अगर वहां निर्माण कर रहा है तो किसी तैयारी के लिए कर रहा है।  लेकिन सरकार इस पर बात नहीं करती। राहुल ने केंद्र सरकार पर  निशाना साधा।  कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बीजेपी पर देश में नफरत फैलाने का आरोप लगाया है। राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी ने  पूरे देश में केरोसीन छिड़क दिया है, एक चिंगारी से आग भड़क सकती है। राहुल गांधी ने कहा कि देश में हालात ठीक नहीं है। कांग्रेस नेता ने कहा कि पीएम मोदी किसी की नहीं सुनते हैं। देश में लोगों की आवाज दबाने की कोशिश हो रही है।राहुल गांधी ने कहा कि फिलहाल भारत अच्छी स्थिति में नहीं है। भारतीय जनता पार्टी ने पूरे देश में मिट्टी का तेल फैला दिया है। आपको एक चिंगारी चाहिए और हम बड़ी मुसीबत में पड़ जाएंगे। मुझे लगता है कि यह विपक्ष की भी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस लोगों, समुदायों, राज्यों और धर्मों को एक साथ लाने का काम कर रही है। राहुल गांधी ने कहा कि हमें इस तापमान को कम करने की जरूरत है क्योंकि अगर यह तापमान ठंडा नहीं हुआ तो चीजें गलत हो सकती हैं। भाजपा की लगातार जीत पर जब राहुल गांधी से सवाल किया गया तो राहुल गांधी ने कहा कि हमें और अधिक आक्रामक रूप से उन 60-70 फीसदी लोगों के पास जाने की जरूरत है, जो भाजपा को वोट नहीं देते हैं और हमें इसे एक साथ करने की जरूरत है। लंदन में एक कार्यक्रम के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि मुझे लगता है कि एक कंपनी के लिए सभी हवाई अड्डों, सभी बंदरगाहों, सभी बुनियादी ढांचे को नियंत्रित करना बहुत खतरनाक है। यह (निजी क्षेत्र का एकाधिकार) इस रूप में कभी अस्तित्व में नहीं रहा। सत्ता और पूंजी के इतने बड़े संकेंद्रण के साथ इसका अस्तित्व कभी नहीं रहा। यह एक और पहलू है जो बातचीत का गला घोंट रहा है क्योंकि पूंजी की ताकत से मीडिया का नियंत्रण है। राहुल गांधी के इस बयान के बाद केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नक़वी ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि आपराधिक साजिश के तहत ही ऐसा बयान दिया जा सकता है। भाजपा ने आरोप लगाया है कि राहुल गांधी दुनिया में भारत को बदनाम कर रहे हैं। भाजपा ने कहा है कि विदेश में भारत को बदनामी करना गांधी परिवार का असली चरित्र है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 May 2022

असम में भीषण बाढ़

 पानी के बहाव में पटरी से पलटी ट्रेन , हांथी बहे    एक तरफ देश भीषण गर्मी से जूझ रहा है।  तो वहीं  देश के कई राज्यों में भारी बारिश के चलते बाढ़ की स्थिति बनी हुई  है। असम में बाढ़ के कारण हाहाकार मचा हुआ है। राज्य में बाढ़ के कारण करीब 8 लाख लोग प्रभावित हैं। जमुनामुख जिले के दो गांवों के 500 से अधिक परिवार रेलवे ट्रैक पर रहने को मजबूर हैं। बाढ़ में अपना लगभग सब कुछ गंवा देने के वाले जमुनामुख जिले के चांगजुरई और पटिया पाथर गांव के लोगों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। तिरपाल के नीचे रहने को मजबूर ग्रामीणों का दावा है कि उन्हें पिछले पांच दिनों में राज्य सरकार और जिला प्रशासन से ज्यादा मदद नहीं मिली है। लोगों को खाने-पीने की चीजों की बहुत किल्लत हो रही है। असम में भारी भूस्खलन और लगातार बारिश की वजह से बाढ़  जैसे हालात बने हैं। असम के नागांव में कामपुर के कई इलाकों में बारिश के बाद हर तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है। वहीं पटरियों पर जलजमाव होने के कारण असम के लुमडिंग-बदरपुर पहाड़ी खंड में दो दिनों से फंसी दो ट्रेनों के करीब 2800 यात्रियों को निकालने का काम सोमवार को वायु सेना और अन्य एजेंसियों की मदद से पूरा हो गया। पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) के प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कई यात्रियों को वायु सेना द्वारा निकाला गया क्योंकि शनिवार से जारी लगातार बारिश से बचाव अभियान बाधित हुआ था। दो ट्रेनें दीमा हसाओ जिले में एनएफआर के लुमडिंग खंड में फंसी हुई थीं।  हाफलोंग राजस्व खंड में भूस्खलन में तीन लोगों की मौत हो गई है।  और असम के सात जिलों में बाढ़ से 57,119 लोग प्रभावित हुए हैं। क्योंकि राज्य के अधिकांश हिस्सों में लगातार बारिश जारी है। प्रभावित लोगों में से 4,330 को सरकार द्वारा स्थापित 20 राहत शिविरों में रखा गया है। विभिन्न प्रभावित जिलों में नौ राहत वितरण केंद्र संचालित हैं। इसमें कहा गया है कि बाढ़ की मौजूदा स्थिति में कुल 10,321 हेक्टेयर खेत जलमग्न हो गए हैं। एनएफआर के प्रवक्ता ने गुवाहाटी में कहा कि प्रभावित क्षेत्र में शनिवार से खंड की करीब 18 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है और 10 से अधिक अन्य ट्रेनों को कुछ समय के लिए टाल दिया गया है। लगातार बारिश के बावजूद क्षतिग्रस्त रेल पटरियों की बहाली का काम जोरों पर है। बाढ़ की भीषण चपेट में जानवर भी आये। हाथियों का शव बाढ़ में तैरता मिला।  वहीं रेलवे ट्रैक  पर दौड़ती ट्रेने पानी में तैरती दिखीं।   वहीं दूसरीओर उत्तर भारत की बात करें तो कई राज्यों में भीषण गर्मी और लू के कारण लोग बेहाल रहे हैं। बीते दिनों, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा जैसे राज्यों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच गया था। हालांकि, शुक्रवार रात तेज हवाओं के साथ बारिश के कारण तापमान में गिरावट जरूर दर्ज किया गया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 May 2022

असम में भीषण बाढ़

पानी के बहाव में पटरी से पलटी ट्रेन , हांथी बहे    एक तरफ देश भीषण गर्मी से जूझ रहा है।  तो वहीं  देश के कई राज्यों में भारी बारिश के चलते बाढ़ की स्थिति बनी हुई  है। असम में बाढ़ के कारण हाहाकार मचा हुआ है। राज्य में बाढ़ के कारण करीब 8 लाख लोग प्रभावित हैं। जमुनामुख जिले के दो गांवों के 500 से अधिक परिवार रेलवे ट्रैक पर रहने को मजबूर हैं। बाढ़ में अपना लगभग सब कुछ गंवा देने के वाले जमुनामुख जिले के चांगजुरई और पटिया पाथर गांव के लोगों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। तिरपाल के नीचे रहने को मजबूर ग्रामीणों का दावा है कि उन्हें पिछले पांच दिनों में राज्य सरकार और जिला प्रशासन से ज्यादा मदद नहीं मिली है। लोगों को खाने-पीने की चीजों की बहुत किल्लत हो रही है। असम में भारी भूस्खलन और लगातार बारिश की वजह से बाढ़  जैसे हालात बने हैं। असम के नागांव में कामपुर के कई इलाकों में बारिश के बाद हर तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है। वहीं पटरियों पर जलजमाव होने के कारण असम के लुमडिंग-बदरपुर पहाड़ी खंड में दो दिनों से फंसी दो ट्रेनों के करीब 2800 यात्रियों को निकालने का काम सोमवार को वायु सेना और अन्य एजेंसियों की मदद से पूरा हो गया। पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) के प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कई यात्रियों को वायु सेना द्वारा निकाला गया क्योंकि शनिवार से जारी लगातार बारिश से बचाव अभियान बाधित हुआ था। दो ट्रेनें दीमा हसाओ जिले में एनएफआर के लुमडिंग खंड में फंसी हुई थीं।  हाफलोंग राजस्व खंड में भूस्खलन में तीन लोगों की मौत हो गई है।  और असम के सात जिलों में बाढ़ से 57,119 लोग प्रभावित हुए हैं। क्योंकि राज्य के अधिकांश हिस्सों में लगातार बारिश जारी है। प्रभावित लोगों में से 4,330 को सरकार द्वारा स्थापित 20 राहत शिविरों में रखा गया है। विभिन्न प्रभावित जिलों में नौ राहत वितरण केंद्र संचालित हैं। इसमें कहा गया है कि बाढ़ की मौजूदा स्थिति में कुल 10,321 हेक्टेयर खेत जलमग्न हो गए हैं। एनएफआर के प्रवक्ता ने गुवाहाटी में कहा कि प्रभावित क्षेत्र में शनिवार से खंड की करीब 18 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है और 10 से अधिक अन्य ट्रेनों को कुछ समय के लिए टाल दिया गया है। लगातार बारिश के बावजूद क्षतिग्रस्त रेल पटरियों की बहाली का काम जोरों पर है। बाढ़ की भीषण चपेट में जानवर भी आये। हाथियों का शव बाढ़ में तैरता मिला।  वहीं रेलवे ट्रैक  पर दौड़ती ट्रेने पानी में तैरती दिखीं।   वहीं दूसरीओर उत्तर भारत की बात करें तो कई राज्यों में भीषण गर्मी और लू के कारण लोग बेहाल रहे हैं। बीते दिनों, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा जैसे राज्यों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच गया था। हालांकि, शुक्रवार रात तेज हवाओं के साथ बारिश के कारण तापमान में गिरावट जरूर दर्ज किया गया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 May 2022

दिल्ली हाईकोर्ट

वैवाहिक बलात्कार आपराधिक श्रेणी में नहीं  दिल्ली हाईकोर्ट ने वैवाहिक बलात्कार को अपराध घोषित करने के मामले पर खंडित फैसला सुनाया। दो बेंच की खंडपीठ में दोनों न्यायाधीशों के मतों में अंतर दिखा। एक न्यायाधीश ने इस प्रावधान को समाप्त करने का समर्थन किया।तो दूसरे न्यायाधीश ने इसे असंवैधानिक बताया  ...  क्या है वैवाहिक बलात्कार   ... क्यों आईपीसी की धारा 375 चर्चाओं में है। आइये जानते हैं।  कई बार देखा गया है की लोग ऐसे सामाजिक मुद्दों से बचते नजर आते हैं।  तर्क होता है समाज का माहौल खराब होगा। लेकिन वास्तविकता में ये ही वो सामाजिक मुद्दे हैं।  जिन पर चर्चा की जानी चाहिए।  चर्चा के साथ इनका हल निकलना चाहिए। हालांकि ये इतना आसान नहीं होता है  . क्यूंकि इसमें बहुत सारे पहलू काम करते हैं  ... दरअसल लॉर्ड मैकाले की सिफारिश पर 1860 में भारतीय दंड संहिता की धारा 375 .  यानी बलात्कार के तहत वैवाहिक बलात्कार के अपवाद की संवैधानिकता को  इस आधार पर चुनौती दी गई थी की  IPC धारा 375 का क्लॉज़ 2   उन विवाहित महिलाओं के साथ भेदभाव करता है , जिनका उनके पतियों द्वारा यौन उत्पीड़न किया जाता है।  इस अपवाद के अनुसार, यदि पत्नी नाबालिग नहीं है, तो उसके पति का उसके साथ यौन संबंध बनाना।  या यौन कृत्य करना बलात्कार की श्रेणी में नहीं आता , खंडपीठ की अगुवाई कर रहे जस्टिस राजीव शकधर ने वैवाहिक बलात्कार के अपवाद को समाप्त करने का समर्थन किया।  जबकि न्यायमूर्ति सी हरिशंकर ने कहा कि  ...  भारतीय दंड संहिता के तहत प्रदत्त यह अपवाद असंवैधानिक नहीं है।  जस्टिस शकधर ने निर्णय सुनाते हुए कहा, ‘जहां तक मेरी बात है, तो विवादित प्रावधान धारा 375 का अपवाद दो ,  संविधान के अनुच्छेद 14  जिसमे कानून के समक्ष समानता, अनुच्छेद 15 धर्म, नस्ल, जाति, लिंग या जन्म स्थान के आधार पर भेदभाव का निषेध , 19 (1) (ए)  जो की बोलने  और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार देता है साथ ही अनुच्छेद 21 जो की जीवन और व्यक्तिगत स्वतंत्रता का अधिकार देता है … उसका उलंघन है  ...  इसलिए इन्हें समाप्त किया जाता है.’  वहीं जस्टिस शकधर ने कहा कि उनकी घोषणा निर्णय सुनाये जाने की तारीख से प्रभावी होगी  ... लेकिन जस्टिस शंकर ने कहा, ये प्रावधान संविधान के अनुच्छेद 14, 19 (1) (ए) और 21 का उल्लंघन नहीं करते।  उन्होंने कहा कि अदालतें लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित विधायिका के दृष्टिकोण के स्थान पर अपने व्यक्तिपरक निर्णय को प्रतिस्थापित नहीं कर सकतीं।  क्या है  केंद्र सरकार की दलील है केंद्र ने 2017 के अपने हलफनामे में दलीलों का विरोध करते हुए कहा था कि  वैवाहिक बलात्कार को आपराधिक श्रेणी में नहीं रखा जा सकता है। क्योंकि यह एक ऐसी घटना बन सकती है, जो विवाह की संस्था को अस्थिर कर सकती है।  और पतियों को परेशान करने का एक आसान साधन बन सकती है।  हालांकि, केंद्र ने इस  याचिका पर अपने पहले के रुख पर ‘फिर से विचार’ करने की बात कही है।    अब मैरिटल रेप को लेकर इसमें तर्क दिया जाता है की, अगर यह दंडनीय अपराध हुआ तो महिलाएं पुरुषों पर आए दिन ऐसे आरोप लगाती रहेंगी।   ipc की धारा 498 के तहत घरेलू हिंसा दंडनीय अपराध है।   महिला  के सम्मान को किसी तरह चोट पहुंचाना  दंडनीय अपराध है।   यदि कोई महिला आरोप लगाती है तो  जेल का प्रावधान है  ...   लेकिन महिला के साथ पति बलात्कार करे तो इसमें  सजा का प्रावधान नहीं है।  यानी बदसलूकी पर जेल लेकिन बलात्कार पर कोई सजा नहीं।  क्या कहते हैं आंकड़ेनेशनल  हेल्थ फैमिली सर्वे के अनुसार देश में 24 प्रतिशत महिलाओं को घरेलू हिंसा का सामना करना पड़ता है।   एक्सपर्ट्स का मानना है की कई बार मामले सामने इसलिए नहीं आते की समाज क्या कहेगा।  ऐसी बुराई जिसको समाज के डर से कोई बाहर नहीं लाना चाहता।   कई  पुरुषों का तो यहाँ तक मानना है की पत्नी के साथ जबरन सेक्स करना पति का अधिकार है।  प्रदेश जो इन बुराइयों में आगे हैं  पत्नियों के खिलाफ यौन हिंसा में  बिहार - 98 % , जम्मू कश्मीर  97 % ,  आंध्र प्रदेश 96 % ,   मध्य प्रदेश  96 % ,  उत्तर प्रदेश और फिर हिमाचल प्रदेश  .. हेल्थ सर्वे के अनुसार . यौन उत्पीड के   99 % मामले दर्ज नहीं होते।   नेशनल क्राइम रिपोर्ट ब्यूरो के अनुसार  हर दिन 88 रेप भारत में होते हैं।  अब ये भी समझ लेते हैं की  दुनिया में मैरिटल रेप के लिए क्या कानून बने हैं।  पूरी दुनिया में पोलैंड में 1932 मैरिटल रेप को अपराध घोषित किया।  हालांकि उससे पहले रूस ने भी इसपर कानून बनाए थे।   उसके बाद 1993 में अमेरिका ,1986 यूरोपीय संसद , यहाँ तक की नेपाल ने 2002 में इसे अपराध की श्रेणी में डाला।  इसमें सजा का प्रावधान है।  कुल मिलाकर 77 देशों में अपराध को लेकर स्पष्ट कानून है।  लेकिन भारत उन 34 देशों में हैं जिसमें मैरिटल रेप को अपराध  नहीं माना है।क्या इसके पीछे महिलाएं भी जिम्मेदार ?मैरिटल रेप में कानून न बनने के पीछे जितना पुरुष जिम्मेदार है।  उतना ही दोष महिलाओं का भी है।  कोर्ट में ऐसे कई मामले आये हैं जहाँ महिलाओं ने ipc की धारा  498 सहित कई धाराओं का गलत उपयोग किया है। उसका दुरुपयोग ज्यादा हो रहा है।  फिर चाहे ससुराल पक्ष और पति  को फ़साने का हो या अन्य तरह के झूठे प्रकारन। महिलाओं को भी समझना होगा  की  क़ानून आपको सुरक्षा देने के लिए बना है।   इसको हथियार की तरह उपयोग न करें।  कानून का सम्मान करें।  पुरुष समाज के डरने का  ये सबसे बड़ा कारण है।  बहरहाल हाई कोर्ट का फैसले में विभिन्नता के बाद  याचिका कर्ताओं के पास सुप्रीम कोर्ट जाने का रास्ता अभी खुला है।  मध्यप्रदेश  के आंकड़े क्या कहते हैं  मध्यप्रदेश की बात करें तो नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB)  के मुताबिक़  जबरन शादी के लिए मजबूर करने के लिए  2020 में एक हज़ार से ज़्यादा लोगों का अपहरण किया गया।  वहीं छत्तीसगढ़ में  में सिर्फ 59 मामले दर्ज किए गए।  एनसीआरबी की के  आंकड़ों के मुताबिक 2020 में मध्यप्रदेश में जबरन शादी के लिए मजबूर करने के 1025 मामले दर्ज हुए।   ये सभी मामले आईपीसी की धारा 366 के तहत दर्ज किए गए।  रिपोर्ट के मुताबिक 2020 में  सबसे ज्यादा मामले यूपी, बिहार, असम, पंजाब और राजस्थान में दर्ज हुए हैं।  मध्यप्रदेश में 2020 और 2021 के बीच महिलाओं के खिलाफ हिंसा और उत्पीड़न की 1900 शिकायतें महिला आयोग तक पहुंची। कोरोना संक्रमण काल में भी महिलाओं के खिलाफ हिंसा और उत्पीड़न का मामला नहीं रुका।  आंकड़ों के मुताबिक महामारी में भी कुल 54587 शिकायतें राष्ट्रीय महिला आयोग को मिली थी।  तो कुल मिलाकर मैरिटल रेप अपराध की श्रेणी में  फिलहाल तो नहीं आता। आगे आने वाले समय में सुप्रीम कोर्ट में जब इससे संबंधित याचिका जाएगी।  उसके बाद ही कोई निर्णय हो पायेगा।  लेकिन समाज को कानून के डर  से नहीं खुद से आत्ममंथन करने की जरूरत है।  पुरुषों और महिलाओं दोनों को को इसके बारे में सोचना होगा। कानून को आत्मरक्षा  के लिए उपयोग करने की जरूरत है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 May 2022

rajeev gandhi

राहुल राव  भोपाल - 31 साल पहले भारत रत्न श्री राजीव गांधी इस दुनिया से चले गए।  इस दिन हमने न केवल एक विद्वान राजनेता बल्कि एक अद्भुत इंसान भी खो दिया।  आज, हम अपने देश में बदलाव लाने के प्रति उनके समर्पण, प्रतिबद्धता और करुणा को याद करते हैं और उन्हें संजोते हैं।  इस दिन और उम्र में भी हम देख सकते हैं कि कैसे उन्होंने कई फैसले लिए, जिसने भारत को सही दिशा में मोड़ दिया।  उन्होंने वैज्ञानिक विकास का समर्थन किया और भारत को विकसित करने और 21वीं सदी के लिए तैयार होने के लिए एक उपकरण के रूप में प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल किया।  वह एक ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने सूचना प्रौद्योगिकी के महत्व पर जोर दिया और इसलिए कई मिशन शुरू किए, जिनसे सभी को लाभ हुआ, जैसे टीकाकरण, पेयजल, शुष्क भूमि की खेती और कई अन्य।  उनकी जैसी अलग मानसिकता के साथ, भारत ने सरकार की ओर से कई ऐसी पहल देखीं, जिनकी देश ने पहले कल्पना भी नहीं की थी।  पेश किया गया बजट एक ऐसी ही पहल थी जिसने अर्थव्यवस्था के कायाकल्प को बढ़ावा दिया और अर्थव्यवस्था की बहाली और 1991 के अभूतपूर्व सुधारों का मार्ग प्रशस्त किया। आज के युवा उन्हें सलाम करते हैं और मतदान की उम्र कम करके देश के युवाओं को सशक्त बनाने के लिए धन्यवाद देते हैं।  जिसे भारत के युवा दिमाग अपना नेता चुन सके।  आज हम 'भारत की सूचना प्रौद्योगिकी और दूरसंचार क्रांति के जनक' को नमन करते हैं और याद करते हैं कि कैसे उन्होंने आधुनिक भारत की नींव रखी, कैसे उन्होंने अत्याधुनिक दूरसंचार तकनीक विकसित की, और ऐसा करने की प्रक्रिया में सही नाम मिला।  डिजिटल इंडिया के वास्तुकार के रूप में।  उन्होंने अपना ध्यान समाज के कमजोर वर्गों के उत्थान की ओर केंद्रित किया।  उनका मानना ​​​​था कि समाज के कमजोर वर्ग, जैसे शोषित, पिछड़े वर्ग, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, शिक्षा के लिए उचित जोखिम दिए जाने पर फल-फूल सकते हैं।  उन्होंने इस मुद्दे को कई बार उठाया और स्वीकार किया कि शिक्षा अभी तक समाज के कमजोर वर्ग तक नहीं पहुंची है और शिक्षा प्रदान करने से निश्चित रूप से देश के कमजोर वर्गों का कल्याण होगा।  यहां तक ​​कि हमारे देश के लोकतंत्र में भी पूर्व प्रधानमंत्री द्वारा उठाया गया एक सराहनीय कदम देखा गया।  राजीव गांधी के सत्ता में आते ही उन्होंने भारतीय राजनीति में शौच की समस्या को संबोधित किया, जो भारतीय संविधान में 42वें संशोधन के साथ इस प्रथा को प्रतिबंधित करके लोकतंत्र के नैतिक आधार पर एक विनाशकारी प्रथा और बेहद अनैतिक थी।  राजीव गांधी इस बात से अच्छी तरह वाकिफ थे कि महिलाएं किसी भी सामाजिक व्यवस्था की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।  "हर समुदाय की सफलता और समृद्धि का अंदाजा दूसरे आधे लोगों के विकास से लगाया जा सकता है," उनका मानना ​​​​था।  आध्यात्मिक महत्वाकांक्षाओं और राजनीतिक विचारों सहित सभी क्षेत्रों में महिलाएं पुरुषों के बराबर हैं।  जब बलिदान और बहादुरी की बात आती है, तो कभी भी असहमति नहीं रही है।  हमारी आजादी की लड़ाई यही दर्शाती है।  उन्होंने यह भी कहा कि महिलाओं का योगदान, चाहे घर पर हो या काम पर, पुरुषों की तुलना में कभी भी कमजोर या कम नहीं रहा है, लेकिन महिलाओं को अभी भी पर्याप्त शैक्षिक और नौकरी के अवसरों से वंचित रखा गया है। इसके अलावा राजीव गांधी ने सामाजिक न्याय को सभी समूहों और क्षेत्रों के विकास के रूप में परिभाषित किया।  समाज की।  वह चाहते थे कि हर कोई, जाति, जन्म, धर्म या त्वचा के रंग की परवाह किए बिना, विकास का अनुभव करे।  23 जनवरी, 1984 को, उन्होंने राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर एक बहस के दौरान कहा, "कांग्रेस विभिन्न विचारधाराओं की प्रतिनिधि है, सामाजिक न्याय के लिए संघर्ष, आत्मनिर्भरता के लिए संघर्ष, धन के केंद्रीकरण के खिलाफ, सभ्य सार्वजनिक उपक्रमों का मतलब है  लोगों के कल्याण, धर्मनिरपेक्षता और गुटनिरपेक्षता और शांति की नीतियों के लिए।"  17 दिसंबर 1985 को, उन्होंने 7वीं योजना पर चर्चा के दौरान राज्यसभा में घोषणा की, "हमने 7वीं योजना में अपने विकल्पों को संशोधित नहीं किया है।"  राजनीतिक विरोधी उनके विरोधी नहीं थे, बल्कि राजनीतिक व्यवस्था में एक स्थान चाहने वाले साथी नागरिक थे। उनके मैत्रीपूर्ण व्यवहार और सुखद मुस्कराहट ने उन्हें राजनीतिक बाधाओं को तोड़ने में सहायता की। वह आसानी से गलियारे में कदम रख सकते थे क्योंकि वे अपनी पार्टी को पार कर सकते थे।  संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत, श्री अटल बिहारी वाजपेयी को भेजें। राजनीतिक पूर्वाग्रहों ने उन्हें परेशान नहीं किया, न ही अपशब्दों या आक्षेपों ने, क्योंकि उन्हें भारत में शासन में एक आदर्श बदलाव लाने की अपनी क्षमता पर भरोसा था। हम, भारत के लोग  इतने युवा और भयानक रूप से दूरदर्शी, स्पष्ट-प्रधान और गतिशील नेता को खो देने के लिए बेहद बदकिस्मत थे। अगर राजीव गांधी रहते, तो आज हम एक अलग प्रकार की राजनीतिक और सामाजिक व्यवस्था देखते। उनकी मानवीय और समकालीन विचार-प्रक्रिया  उन्होंने राजनीति को स्वार्थ के अंधेरे काल कोठरी से मुक्त करने में मदद की और इसे केवल लोगों के लाभ के लिए काम करने की अनुमति दी। भारत के समाजवादी और धर्मनिरपेक्ष लोकतंत्र के प्रति उनकी निष्ठा सेवा करती है  सांप्रदायिक और फासीवादी प्रभावों के खिलाफ हमारी लड़ाई में एक सबक और मार्गदर्शक प्रकाश के रूप में।  हम भारत के एक प्रगतिशील, प्रभावशाली और दयालु प्रधान मंत्री को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं जिन्होंने भारत को एकजुट करने की मांग की और अपने आदर्शों और मूल्यों का पालन करके और उन्हें आज की दुनिया में भी लागू करके 21 वीं सदी में इसे आगे बढ़ाने में मदद की।   लेखक  राहुल राव  चेयरमैन मीडिया विभाग  भारतीय युवा कॉंग्रेस

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 May 2022

लखनऊ

क्या लखनऊ का नाम लक्षमण नगरी होगा ?  इधर ज्ञानवापी मस्जिद का मुद्दा अभी चल ही रहा था की एक और विषय ने नया मुद्दा खड़ा कर दिया है। विषय लखनऊ को लेकर है।  और यह चर्चाओं में उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के ट्वीट के बाद आया।  बीजेपी की सरकार के आने के बाद उत्तरप्रदेश के कई शहरों के नाम बदल दिए गए। एक नाम इस समय फिर सुर्खियों में हैं। कयास लगाए जा रहे हैं की  उत्तरप्रदेश  की राजधानी लखनऊ को भगवान् राम के भाई लक्षमण पर किया जायेगा।  हाल ही में हुए पीएम मोदी के उत्तरप्रदेश के दौरे के दौरान बीजेपी ने एक पोस्टर के साथ पीएम मोदी का स्वागत किया। जिसमे यह लिखा गया की लक्षमण की नगरी लखनऊ में पीएम मोदी का स्वागत है।  प्रधानमंत्री के स्वागत के दौरान सीएम योगी ने मोदी के साथ अपनी और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की एक तस्वीर के साथ ट्वीट करते हुए लिखा, “शेषावतार भगवान लक्ष्मण की पावन नगरी लखनऊ में आपका हार्दिक स्वागत व अभिनंदन है। जिसके बाद यह बात ज्यादा सुर्खियों में आई।  16 मई, 2022 कोलखनऊ में कई ऐसी गतिविधियां हुई जिसने यह सोचने पर मजबूर किया की यह कहीं भगवान् लक्ष्मण के नाम पर बदला तो नहीं जायेगा। लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया ने घोषणा की है कि हनुमान मंदिर के पास झूलेवाला वाटिका में लक्ष्मण की 151 फुट की प्रतिमा लगाई जाएगी। प्रस्ताव सरकार को भेज दिया गया है और 15 करोड़ रुपये का बजट अलग रखा गया है। क्या सच में भगवान “लक्ष्मण की नगरी” है लखनऊ?  कहां से आया लखनऊ का नाम।  दरअसल लखनऊ का नाम लंबे समय से कहानियों और लोकप्रिय कथाओं में लक्ष्मण के साथ जुड़ाता रहा है। शहर के नाम बदलने की अटकलों को तब बल मिला, जब दिवंगत भाजपा नेता लालजी टंडन ने 2018 में अपनी किताब में इसका जिक्र किया।  लाल जी टंडन तो नहीं रहे लेकिन उनकी इस  किताब ने हलचल मचा दी है। सवाल यह की  क्या वाकई में लखनऊ भगवान ” लक्ष्मण की नगरी” है? इस को लेकर  इतिहासकार और जानकार की क्या राय  है।   सीएम योगी के इस ट्वीट के बाद लखनऊ के नाम बदलने की चर्चा शुरू हो  गई।  पौराणिक कथाओं के मुताबिक़ लखनऊ कौशल राज का हिस्सा है। मान्यता है कि भगवान राम के छोटे भाई लक्ष्मण ने इस शहर को बसाया था। यह श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या से लगभग 80 किमी दूर है।  बताते हैं कि लखनऊ में लक्ष्मण टीला, लक्ष्मणपुरी, लक्ष्मण पार्क समेत कई ऐसे स्थान हैं, जो लक्ष्मण के नाम पर हैं।कहा जाता है की  लक्ष्मण के टीले को टीले वाली मस्जिद बना  दिया गया।  औरंगजेब ने टीले वाली मस्जिद का निर्माण कराया था। इतिहासकार अब्दुल हलीम शरर ने अपनी पुस्तक "पुराना लखनऊ" में लिखा है, “कुछ निष्कर्षों और प्राचीन लोककथाओं के आधार पर यह निश्चित रूप से कोई नहीं जानता कि शहर की स्थापना किसने की और इसका नाम कैसे पड़ा? यह अनुमान लगाया जा सकता है कि भगवान राम के वनवास से लौटने के बाद यह भूमि उनके भाई लक्ष्मण को दी गई थी।”टीले के चारों ओर एक बस्ती बसाई गई थी, जिसे लक्ष्मणपुर के नाम से जाना जाने लगा और लक्ष्मण टीला के रूप में लोकप्रिय हो गया। ऐसा माना जाता था कि टीले की गहराई में एक गुफा भी है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 May 2022

श्रीलंका

श्रीलंका ने विदेशी मुद्रा रखने की सीमा 10 हजार डॉलर की  भारत के पड़ोसी राज्य श्री लंका की स्थिति दिन प्रतिदिन बिगड़ती ही जा रही है। महंगाई बेरोजगारी अराजकता का माहौल बना हुआ है।  श्रीलंका की आर्थिक स्थिति अब तक के सबसे खराब स्तर पर है। विदेशी मुद्रा के संकट की वजह से आज श्रीलंका के पास ईंधन भुगतान के लिए पैसा नहीं है। श्रीलंका ने लोगों के पास विदेशी मुद्रा रखने की सीमा को 15 हजार से घटाकर 10 हजार अमेरिकी डॉलर कर दिया है। श्रीलंका सरकार ने कहा है कि वे इस ईंधन के लिए कतार में खड़े होकर इंतजार नहीं करें। यह साफ कहा गया है कि सरकार के पास पैसे नहीं हैं। तीन तेल के टैंकर बंदरगाह पर खड़े हैं।  लेकिन श्री लंका की स्थिति ये है की वो पैसे न होने की वजह से बंदरगाह से तेल नहीं निकाल पा रहा है।  विदेशी मुद्रा संकट की वजह से आज श्रीलंका के पास ईंधन भुगतान के लिए पैसा नहीं है। श्रीलंका के केंद्रीय बैंक ने किसी व्यक्ति के पास विदेशी मुद्रा रखने की सीमा को 15,000 डॉलर से घटाकर 10,000 अमेरिकी डॉलर करने का फैसला किया है। देश में विदेशी मुद्रा संकट की वजह से आज श्रीलंका के पास ईंधन भुगतान के लिए पैसा नहीं है। इसी के मद्देनजर केंद्रीय बैंक ने यह फैसला लिया है। गवर्नर ने कहा कि 10,000 डॉलर की सीमा के साथ संबंधित व्यक्ति को यह भी बताना होगा कि उसे यह राशि कहां से मिली है। उन्होंने कहा कि विदेशी मुद्रा रखने वालों को दो सप्ताह की छूट दी जाएगी। इससे अधिक विदेशी मुद्रा को उन्हें बैंकिंग प्रणाली में अपने विदेशी मुद्रा खाते में जमा करना होगा या इसे ‘सरेंडर’ करना होगा। श्रीलंका के समुद्री किनारे पर लगभग दो महीने से पेट्रोल से लदा जहाज खड़ा है।   लेकिन इसका भुगतान करने के लिए उसके पास विदेशी मुद्रा नहीं है। आपको ये भी बताते चलें की श्री लंका के नए पीएम रानिल विक्रम सिंघे ने कहा की पैसे की कमी को दूर करने के लिए मुद्रा को छापेंगे।  जानकारों का मानना है की ऐसा करने से स्थिति और बिगड़ेगी।  क्योंकि मुद्रा छपने से गरीबी दूर नहीं की जा सकती।  यह आर्थिक हालातों को और बिगड़ेंगे।  जैसा की वेनेजुएला और दूसरे देशों में हुआ है। आज इन देशों में मुद्रा गिर गई है।  दूध या अन्य जरूरी सामान के लिए  थैला भरकर पैसा लाना पड़ता है।   लोग बड़ी मात्रा में पैसा लेकर जाते हैं।   कई देशों ने करेंसी बढाकर खुद की स्थिति और खराब कर ली है।  अर्थशास्त्रियों के अनुसार करेंसी छपने के नियम होते हैं. जो प्रोडक्ट और जीडीपी के अनुसार होता है।  उसमे कई पहलू काम करते हैं। लेकिन जानकारों की माने तो श्रीलंका के पास इतना पैसा नहीं है की वो सरकारी कर्चारियों को बेतन बांट सके।  और श्रीलंका ने  सिर्फ बेतन बाटने के लिए यह कदम उठाया है।  श्री लंका के हालात अभी और खराब होने है।  भारत ने श्रीलंका की कई बार मदद की।  लेकिन श्रीलंका का चीन , जापान , वर्ल्डबैंक सहित कई देशों का कर्ज है।  कर्ज न चुका पाने के कारण श्रीलंका का हम्बनटोटा बंदरगाह चीन ने अपने कब्जे में ले लिया है।  100 साल की लीज पर यह बंदरगाह चीन के पास रहेगा।  चीन अपनी डेट यानी ऋण देने की पालिसी को बढ़ाता है।  और देश के कर्ज न चुका पाने पर कब्ज़ा करना शुरू कर देता है।  ऐसा ही कुछ चीन के पकिस्तान , नेपाल , बांग्लादेश के साथ करने की संभावना है ।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 May 2022

लालू प्रसाद यादव

लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें बढ़ी  रेलवे घोटाले का जिन्न एक बार फिर  पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें बढ़ा रहा हैं। पटना-दिल्ली समेत 17 ठिकानों पर सीबीई ने  पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू प्रसाद यादव के ठिकानों पर छापेममार कार्रवाई की   ... रेलवे भर्ती बोर्ड में हुई गड़बड़ी के मामले में ये कार्रवाई हुई है। लालू यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और बेटी मीसा भारती के पटना सहित  गोपालगंज और दिल्ली के 10 ठिकानों  पर छापेमारी हुई।  सीबीआई ने पटना में राबड़ी देवी और  तेजप्रताप यादव से अलग-अलग कमरों में पूछताछ की। पूछताछ के लिए 3-3 अफसरों की दो टीमें बनाई गई है।  दिल्ली मेंमीसा भारती के आवास पर लालू यादव से CBI के अफसर पूछताछ कर रहे  हैं। रेलवे भर्ती से जुड़ी फाइलों के बारे में जानकारी ली जा रही है। छापे के दौरान लालू प्रसाद यादव ने सीबीआई के अफसरों से कहा उनकी तबियत ठीक नहीं है।  उन्होंने  डॉक्टर बुलाने की मांग की।   पटना में राबड़ी देवी से पूछताछ  की जा रही है।  दरअसल पूरा मामला रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) घोटाले से जुड़ा हुआ है।  2004 से 2009 के बीच लालू यादव के रेलमंत्री रहने के   दौरान बड़े घोटाले हुए।   जॉब लगवाने के बदले में जमीन और प्लॉट लिए जाने के आरोप लगे है।   बिहार से भाजपा के सांसद और पूर्व डिप्टी CM सुशील मोदी ने  कहा कि, लालू के रेल मंत्री रहते भ्रष्टाचार का एक नया तरीका इजात किया गया था। जमीन के बदले डी ग्रुप की नौकरी दी गई।  पटना में CBI की कार्रवाई का विरोध शुरू हो गया है। राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के कार्यकर्ताओं ने कार्रवाई का विरोध किया।  इस दौरान जमकर हंगामा किया गया । इसे राजनीति से प्रेरित बताया। कार्यकर्ता केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। उनका कहना है कि ये सत्ता का दुरुपयोग है। विधान परिषद में मिली सफलता से BJP डर गई है। इसके चलते ये छापेमारी की गई है। बता दें कि एक दिन पहले ही तेजस्वी अपनी पत्नी के साथ लंदन रवाना हुए हैं। आपको ये  चलें कि चारा घोटाले के आरोप  में लालू को 5 साल की सजा और 60 लाख का जुर्माना लगा गया  था। पिछले महीने ही झारखंड हाईकोर्ट से उनको जमानत मिली है। 66 दिन जेल में बिताने के बाद उन्हें 10 लाख रुपए बॉन्ड के साथ जमानत दी गई है। इसके साथ ही हाई कोर्ट से परमिशन लिए बिना देश छोड़ने और मोबाइल बदलने पर भी पाबंदी है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 May 2022

ज्ञानवापी में हुए सर्वे की रिपोर्ट

फव्वारे में पाइप घुसाने की जगह नहीं  वाराणसी में शृंगार गौरी-ज्ञानवापी में हुए सर्वे की रिपोर्ट आज सिविल जज सीनियर डिवीजन की कोर्ट में दाखिल कर दी गई।  साक्ष्यों को की रिपोर्ट कोर्ट के सामने लाइ गई।  8 पन्नों की रिपोर्ट एडवोकेट कमिश्नर विशाल सिंह ने दाखिल की.। जिसमे   रिपोर्ट में बताया गया की मुस्लिम पक्ष जिसे फव्वारा कह रहा है, उसमें पाइप घुसाने की कोई जगह नहीं है। हिंदू पक्षकार ने जब मुंशी एजाज से फव्वारा चालू करने को कहा तो उसने  फव्वारा चलाने में असमर्थता जताई। बेसमेंट में कुएं का जिक्र है। 3 फीट गहरा पानी से भरा कुंड मौजूद मिला। 2.5 फीट ऊंची गोलाकार आकृति का आकार शिवलिंग जैसी आकृति के ऊपर अलग से सफेद पत्थर लगा हुआ है। मुख्य गुंबद के नीचे दक्षिणी खंभे पर स्वास्तिक का चिन्ह मिला है । मस्जिद के प्रथम गेट के पास तीन डमरू के चिन्ह मिले। उत्तर-पश्चिम दिशा में 15 बाई 15 फीट का एक तहखाना दिखा, जिसके ऊपर मलबा पड़ा था।  पत्थरों पर मन्दिर जैसी कलाकृतियां दिखीं। मस्जिद के भीतर हाथी के सूंड़, त्रिशूल, पान, घंटियां दिखीं। मुख्य गुंबद के नीचे दक्षिणी खंभे पर स्वास्तिक का चिन्ह मिला। उत्तर-पश्चिम दिशा में 15 गुणे 15 फीट का एक तहखाना दिखा, जिसके ऊपर मलबा पड़ा था, वहां पड़े पत्थरों पर मन्दिर जैसी कलाकृतियां दिखीं। 3 फीट गहरा कुंड मिला। कुंड के चौतरफा 30 टोटियां लगी थीं। कुंड के बीच में लगभग 6 फीट गहरा कुआं दिखा। कुआं के बीचोबीच गोल पत्थरनुमा आकृति दिखी। रिपोर्ट में बताय गया की कुंड के बीचोबीच स्थित पत्थर की गोलाकार आकृति है।  जिसमे सींक डालने पर 63 सेंटीमीटर गहराई पाई गई। पत्थर की गोलाकार आकृति के बेस का व्या