Since: 23-09-2009

  Latest News :
देश में फिर फैला कोरोना, राजधानी दिल्ली में संक्रमण दर 15 फीसदी.   दिल्ली में एमसीडी के एकीकरण के प्रस्ताव को मिली मंज़ूरी बीजेपी को बड़ा फायदा .   पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बैनर्जी मिली पीएम मोदी से .   पंजाब हरियाणा में बारिश का अलर्ट.   उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग शुरू .   RBI ने फिर बढ़ाया रेपो रेट , 5.40 फीसदी हुआ .   CM की क्लास बच्चों के साथ .   पुलिस लहरा रही तिरंगा .   आम लोगो के लिये खुले राजभवन के दरवाजे .   पाखंडियों के सहारे सनातन को बदनाम करती है कांग्रेस.   संसार की सबसे कीमती दौलत है .   अपना दल (एस) को राज्यस्तरीय पार्टी का दर्जा.   युवक कांग्रेस चुनाव में फर्जी सदस्यता का भंडाफोड़.   कलेक्टर की डीपी लगाकर ठगी का प्रयास .   लिव इन में रह रहा युवक शिकायत पर गिरफ्तार .   शिक्षक ,सहायक शिक्षक पदों के लिए सातवे दौर का सत्यापन .   स्टील ,पावर प्लांट कारोबारियों पर आयकर का छापा.   पीएम मोदी की बैठक में जायेंगे सीएम और राज्यपाल .  

मध्यप्रदेश की खबरें

 Chief Minister Chouhan taught the history of tricolor to school students शिवराज मामा की पाठशाला

मुख्यमंत्री चौहान ने स्कूली छात्रों को पढ़ाया तिरंगे का इतिहास भोपाल के मॉडल स्कूल में लगी "सी.एम. की क्लॉस-बच्चों के साथ   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आजादी के अमृत महोत्सव पर 10 अगस्त को भोपाल के आदर्श उच्चतर माध्यमिक विद्यालय (मॉडल स्कूल टी.टी. नगर) के विद्यार्थियों को राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे का इतिहास पढ़ाया  "सी.एम. की क्लास-बच्चों के साथ'' कार्यक्रम में मुख्यमंत्री चौहान विद्यार्थियों से रू-ब-रू हुए और राष्ट्रीय ध्वज के इतिहास पर चर्चा भी की |  मुख्यमंत्री चौहान का बच्चों से विशेष स्नेह हैं और उनके कल्याण के लिये अनेक योजनाएँ भी चला रहे हैं। अनके द्वारा समय-समय पर विद्यार्थियों से संवाद भी किया जाता रहा है। हाल ही में मुख्यमंत्री चौहान ने सीएम राइज स्कूल और महारानी लक्ष्मीबाई बालिका उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की छात्रों के साथ पौध-रोपण भी किया था। इसके पूर्व मुख्यमंत्री ने बच्चों को आमंत्रित कर उन्हें मुख्यमंत्री निवास का भ्रमण भी करवाया था। मुख्यमंत्री चौहान के बच्चों के प्रति विशेष स्नेह ने ही उन्हें "शिवराज मामा" के नाम से ख्याति दी है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 August 2022

police indian flag

  जन-सहभागिता से तिरंगा लहरा रही है पुलिस "हर घर तिरंगा अभियान में दिखाई दे रहा है जोश और जुनून     प्रदेश के हर शहर, हर गाँव में "हर घर तिरंगा'' अभियान में राष्ट्रीय ध्वज को 13 से 15 अगस्त तक फहराने के लिये जन-जन उत्सुक हैं। प्रदेश की पुलिस गाँव और शहरों में विभिन्न संगठनों और स्कूली विद्यार्थियों के साथ विभिन्न कार्यक्रम कर राष्ट्रीय ध्वज के इतिहास को साझा कर रही है।   आजादी के अमृत महोत्सव को हर नागरिक के लिये यादगार बनाने और राष्ट्र-प्रेम का जज्बा जगाने के लिये "हर घर तिरंगा'' फहराया जायेगा। अभियान की तैयारियों में पुलिस द्वारा आमजन को जागरूक किया जा रहा है। स्वतंत्रता के लिये बलिदान देने वाले शहीदों की वीर-गाथाओं से जनता में देश-प्रेम की भावना को बलवती करने कार्यक्रम किये जा रहे हैं।   "हर घर तिरंगा'' अभियान में ग्वालियर के 13वीं वाहिनी आवासीय परिसर और पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय उमरिया में तिरंगा रैली, अशोकनगर में जन-जागरूकता रैली के साथ बाइक रैली, इंदौर के गौतमपुरा और पुलिस प्रशिक्षण शाला पचमढ़ी में तिरंगा रैली निकाली गई। आगर-मालवा में अंतर्राष्ट्रीय आदिवासी दिवस पर जनजातीय बहुल ग्राम फैटी में जिले के सभी वरिष्ठ अधिकारियों के साथ तिरंगा रैली, जहाँगीराबाद भोपाल में पुलिस जवानों की रैली, रीवा में विश्वविद्यालय स्टेडियम में छात्र-छात्राओं, अधिकारी-कर्मचारियों की मानव श्रंखला, उज्जैन के ग्राम हरसदन में तिरंगा रैली, पन्ना के अजयगढ़ में जय स्तम्भ चौराहे से पुराना बस स्टेण्ड होते हुए बाइक रैली, नीमच के जीरन और केंट में बाइक रैली के बाद देशभक्तिपूर्ण कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। बुरहानपुर में भी विश्व आदिवासी दिवस पर ग्रामीणों के साथ विशाल तिरंगा रैली, पाँचवीं वाहिनी मुरैना, ग्वालियर, शिवपुरी, शहडोल, भोपाल देहात, आगर-मालवा, पुलिस प्रशिक्षण शाला रीवा, रतलाम, पन्ना में तिरंगा यात्रा निकाली गईं।   अनूपपुर में खेल-कूद प्रतियोगिताओं का आयोजन, भोपाल 23वीं बटालियन में फलों के 500 पौधों का रोपण, 35वीं बटालियन मण्डला में पौध-रोपण, इंदौर में आवासीय परिसर में बच्चों का समूह-गान और वेपन इन्स्ट्रक्शन्स द्वारा पिरामिड निर्माण, सिवनी में अधिकारी-कर्मचारी और एनसीसी केडेट्स की रैली, निवाड़ी में दर्शनीय-स्थलों पर तिरंगा फहराने के क्रम में गढ़कुंडार किले पर तिरंगा फहराया। सीधी परेड ग्राउण्ड में देशभक्तिपूर्ण कार्यक्रम का आयोजन, 10वीं वाहिनी सागर में साइकिल रैली का आयोजन, प्रथम वाहिनी इंदौर में जन-जागरूकता रैली और पैदल भ्रमण, 25वीं वाहिनी भोपाल में व्हाली-बॉल प्रतियोगिता, पुलिस ट्रेनिंग सेंटर रीवा में मानव श्रंखला निर्माण और छिंदवाड़ा में बाइक रैली निकाली गई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 August 2022

rajbhawan madhyapeadesh

राज्यपाल  पटेल ने आमजन के लिए खुलवाया राजभवन   राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आम लोगो को राजभवन के दरवाजे खोलने का निर्देश दिया हैं | आज़ादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा हैं ऐसे में मध्यप्रदेश के राज्यपाल ने पहल की हैं और निर्देश दिए हैं की राजभवन 13, 14 और 16 अगस्त को आमजन के अवलोकन के लिए खोल दिया जायेगा | आमजन के भ्रमण के लिए राजभवन में प्रवेश की अनुमति समय सायंकाल 4 से रात्रि 9 बजे तक का रहेगा  | स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को राजभवन में आमजन का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 August 2022

पाखंडियों के सहारे सनातन को बदनाम करती है कांग्रेस

बलात्कार का आरोपी मिर्ची बाबा है उदाहरण डॉ. केसवानी संतों को आवश्यकता नहीं लक्जरी लाइफ की, मिर्ची बाबा जीता है लक्जरी लाइफ स्टाइल, जांच होने पर और भी मामले आएंगे सामनेभोपाल। हाल ही में बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार हुए वैरागयनंद उर्फ मिर्ची बाबा को लेकर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दुर्गेश केसवानी ने कहा है कि मिर्ची बाबा एक पाखंडी है, जिसका काम केवल और केवल संत समाज को बदनाम करना है। मिर्ची बाबा संतों का चोला ओढ़ कर कांग्रेस के बैनर पर अपनी वासनाओं की पूर्ति कर रहा है। ऐसे फर्जी बाबाओं के कारण संत समाज को अपमान के घूट पीने पड़ते हैं। वहीं कांग्रेस की नीति सदैव सनातन धर्म को अपमानित करने की रही है। इसलिए वो सदैव से ऐसे पाखंडियों को आगे कर भाजपा और हिंदू धर्म को बदनाम करने की साजिश रचती रही है। डॉ. केसवानी ने कहा है कि इस मामले की पूरी जांच की जाएगी। संभवतः मिर्ची बाबा के और भी ऐसे मामले सामने आएंगे, जिसमें उसने मासूम युवतियों के साथ खिलवाड़ की होगी। मिर्ची बाबा साधु का चोला ओढ़ कर लक्जरी लाइफ स्टाइल जीता है। इसके आश्रम में छापा पड़ने के बाद कई वीआईपी प्रोडक्ट और ऐशो आराम की चीजें बरामद हुई थीं। दिग्विजय सिंह के हारने के बाद भी नहीं ली जल समाधि : मिर्ची बाबा को राजनीति में लाने का श्रेय दिग्विजय सिंह को जाता है। जिन्होंने इस पाखंडी को अपने फायदे के लिए हिंदुओं की भावनाओं से खिलवाड़ करने के लिए राजनीति में लॉन्च किया। बाबा धर्म का चोला ओढ़ हिंदुओं को कांग्रेस में जोड़ने का काम कर रहा था, लेकिन वो इसमें थोड़ा भी कामयाब नहीं हो पाया। लोकसभा चुनाव के समय बाबा ने घोषणा की थी कि यदि दिग्विजय सिंह भोपाल से चुनाव हार गए, तो वे जलसमाधि ले लेंगे। दिग्विजय चुनाव हार गए और बाबा कि जल समाधि की घोषणा भी झूठी साबित हुई। उसके बाद बाबा फिर से अपनी पाखंड की दुकान की ओर लौट गया, जिसके कारनामे अब सामने आने लगे हैं। कांग्रेस ने दिया था राज्य मंत्री का दर्जा : पूर्व सीएम कमलनाथ और दिग्विजय सिंह के करीबी माने जाने वाले मिर्ची बाबा को कांग्रेस ने राज्य मंत्री का दर्जा दिया था। मिर्ची बाबा का काम धर्म की आड़ लेकर कांग्रेस की राजनीति चमकाना है। जबकि संत समुदाय का काम लोगों को धर्म की शिक्षा देकर लोगों में परस्पर भाईचारा बढ़ाना होता है, इसके विपरित मिर्ची बाबा हमेशा कड़वी बातें कर लोगों को भड़काता रहा। वो लगातार राजनीति की आड़ में अपनी इच्छापूर्ति के लिए काम करता रहा, जिसका अंजाम उन्हें इस रूप में भुगतना पड़ा। उनकी लाइफ स्टाइल को देख अंदाजा लगाया जा सकता है कि वो इसी तरह के कामों में लिप्त हैं। सरकार इस मामले की पूरी जांच जांच करेगी। ताकि जो भी पीड़ित हैं, उन्हें न्याय मिल सके।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 August 2022

praveen kakkar

“दोस्‍ती” प्रवीण कक्कड़ “कहि रहीम संपति सगे, बनत बहुत बहु रीति। बिपति-कसौटी जे कसे, सोई सांचे मीत।” सुविख्यात कवि रहीमदास द्वारा रचित यह दोहा हम सब ने अपने किताबों में पढ़ा है। इस दोहे के माध्यम से कवि हम से कहता है, जब व्यक्ति के पास संपत्ति होती है तब उसके अनेक सगे-संबंधी तथा मित्र बनते हैं, उसके समीप आते हैं, पर विपत्ती के समय में जो आपका साथ दे, वहीं सच्चा मित्र है। आमतौर पर हम उसे दोस्‍त मानते हैं जो हमारे साथ पढ़ता है, काम करता है, खेलता है या मौज मस्‍ती करता है लेकिन इसके वास्‍तविक मायने काफी गहरे हैं। वास्‍तव में दोस्‍ती संसार की सबसे कीमती दौलत है अगर यह समय, साथ और समर्पण के सूत्र से बंधी हो। आज फ्रेंडशिप डे है। अन्तरराष्ट्रीय मित्रता दिवस या फ्रेंडशिप डे प्रत्येक वर्ष अगस्त के प्रथम रविवार को मनाया जाता है। सर्वप्रथम मित्रता दिवस 1958 को आयोजित किया गया था। वर्ल्ड फ्रेंडशिप डे दोस्ती मनाने के लिए एक खास दिन है। यह दिन अमेरिकी देशों में बहुत लोकप्रिय उत्सव हो गया था जबसे पहली बार 1958 में पराग्वे में इसे 'अन्तरराष्ट्रीय मैत्री दिवस' के रूप में मनाया गया था। आरम्भ में ग्रीटिंग कार्ड उद्योग द्वारा इसे काफी प्रमोट किया गया, बाद में सोशल नेटवर्किंग साइट्स के द्वारा और इंटरनेट के प्रसार के साथ साथ इसका प्रचलन विशेष रूप से भारत, बांग्लादेश और मलेशिया में फैल गया। इंटरनेट और सेल फोन जैसे डिजिटल संचार के साधनों ने इस परम्परा को को लोकप्रिय बनाने में बहुत सहायता की। फ्रेंडशिप डे को सेलिब्रेट करना भले ही आज मॉडर्न ट्रेंड हो, लेकिन दोस्‍ती की यह परंपरा प्राचीन है। राम-सु्ग्रीव व कृष्‍ण-सुदामा से लेकर अकबर-बीरबल तक कई ऐसे उदाहरण हैं, जिनकी दोस्‍ती की आज भी चर्चा होती है। भारत के इतिहास व अनुश्रुतियों में इस तरह के कई उदाहरण दर्ज हैं। दोस्ती एक ऐसा रिश्ता है जिसे खून के रिश्ते की जरूरत नहीं होती। व्यक्ति को प्रत्येक रिश्ता अपने जन्म से ही प्राप्त होता है, अन्य शब्दों में कहें तो ईश्वर पहले से बना के देता है, पर दोस्ती ही एक ऐसा रिश्ता है जिसका चुनाव व्यक्ति स्वयं करता है। सच्ची मित्रता रंग-रूप नहीं देखता, जात-पात नहीं देखता, ऊँच-नीच, अमीरी-गरीबी तथा इसी प्रकार के किसी भी भेद-भाव का खंडन करती है। आमतौर पर यह समझा जाता है, मित्रता हम-उम्र के मध्य होती है पर यह गलत है मित्रता किसी भी उर्म में और किसी के साथ भी हो सकती है। जरा सोच कर देखिए बिना दोस्तों की जिंदगी कितनी बोरिंग सी लगती है. हम किसके साथ अपने दिल की बात शेयर करते और बातों-बातों में किसकी टांग खींचते हैं। हंसी-मजाक, रूठना- मनाना बस यही है दोस्ती। व्यक्ति के जन्म के बाद से वह अपनों के मध्य रहता है, खेलता है, उनसें सीखता है पर हर बात व्यक्ति हर किसी से साझा नहीं कर सकता। व्यक्ति का सच्चा मित्र ही उसके प्रत्येक राज़ को जानता है। पुस्तक ज्ञान की कुंजी है तो एक सच्चा मित्र पूरा पुस्तकालय, जो हमें समय-समय पर जीवन की कठिनाईयों से लड़ने में सहायता प्रदान करता है। व्यक्ति के व्यक्तित्व के निर्माण में दोस्तों की मुख्य भूमिका होती है। ऐसा कहा जाता है की व्यक्ति स्वयं जैसा होता है वह अपने जीवन में दोस्त भी वैसा ही चुनता है और व्यक्ति से कुछ गलत होता है तो समाज उसके दोस्तों को भी समान रूप से उस गलती का भागीदार समझते हैं। क्योकि दोस्तों का फर्ज होता है कि अगर दोस्त से गलती हो तो उसे सही राह दिखाएं और सदमार्ग पर लाने का प्रयास करें। जीवन के हर मोड़ में एक नया दोस्त बनता है। लेकिन गहरा संबंध कुछ ही दोस्तों के साथ हो पाता है हर जगह नहीं मुलाकात में एक नए दोस्त के रुप में कोई न कोई व्यक्ति आपके सामने जरूर आता है। लेकिन हर किसी के साथ गहरी दोस्ती नहीं हो पाती है। दोस्ती में कई बार झगड़े भी होते हैं। लेकिन बिना किसी घमंड के एक दूसरे से माफी मांग ली जाती है। क्योंकि यह रिश्ता निस्वार्थ रिश्ता है। आखिर में इतना कहूँगा कि अच्छे दोस्त बनाओ, कभी भी अपने दोस्तों का दिल मत दुखाओ और उन्हें कभी धोखा नहीं दो । चाहे दुःख हो या सुख हमेशा एक दूसरे का साथ दो और एक दूसरे की हमेशा सहायता करो। यही दोस्ती का असली रूप और असली मजा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 August 2022

अपना दल (एस) को राज्यस्तरीय पार्टी का दर्जा

   यूपी से एमपी तक जश्न का माहौल   उत्तर प्रदेश में अपना दल (एस) को राज्यस्तरीय पार्टी का दर्जा मिलने पर यूपी के साथ-साथ मध्य प्रदेश में भी पार्टी सदस्यों के बीच जश्न का माहौल है। यूपी में पार्टी को राज्यस्तरीय दर्जा मिलने की ख़ुशी में, इंदौर स्थिति पार्टी कार्यालय में मिठाई वितरित की गई। विधानसभा चुनाव 2022 में बेहतरीन प्रदर्शन के आधार पर पार्टी को यह दर्जा दिया गया है। चुनाव आयोग की ओर से इस संबंध में पत्र जारी होने के बाद शुक्रवार से ही पार्टी कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों में ख़ुशी की लहर देखने को मिल रही है। इधर प्रदेश अध्यक्ष अमृतलाल पटेल के नेतृत्व व रणनीतिकार अतुल मलिकराम के मार्गदर्शन में, मध्य प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए अपना दल (एस) ने कमर कस ली है। पार्टी विधानसभा की सभी 230 सीटों के लिए, जमीनी स्तर पर तैयारी कर रही है।     इस मौके पर पार्टी महासचिव रोहित चंदेल, अल्पसंख्यक उपाध्यक्ष इक़बाल पटेल, कार्यालय सहायक मुस्कान सिंह, दीपिका यादव व अन्य उपस्थित रहे। इस अवसर पर रोहित चंदेल ने कहा, "हम यूपी में पार्टी की उपलब्धि से बेहद खुश हैं और मध्य प्रदेश में पार्टी संगठन को मजबूती से आगे बढ़ाने के लिए कार्य कर रहे हैं।"      गौरतलब है कि अपना दल (एस) मध्य प्रदेश के अंदर अपनी पकड़ मजबूत करने के उद्देश्य से युद्धस्तर पर सदस्यता अभियान चला रही है। पार्टी ने विस चुनाव से पूर्व 1 करोड़ 10 लाख से अधिक नए सदस्यों को जोड़ने का लक्ष्य बनाया है। इसके लिए ऑफलाइन व ऑनलाइन सदस्यता अभियान जून माह से ही शुरू है। वहीँ सूत्रों की मानें तो आगामी चुनावों में मध्य प्रदेश के अंदर आप दल (एस) तीसरी सबसे बड़ी पार्टी बनने की तैयारियों में जुटी है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 August 2022

महापौर , पार्षदों ने ली पद गोपनीयता की शपथ

  सीएम की जनप्रतनिधियों से जनता के विश्वास को जोड़े रखने की अपील    भोपाल में आइएसबीटी स्‍थित नगर निगम के कार्यालय परिसर में कलेक्‍टर अविनाश लवानिया ने नवनिर्वाचित महापौर मालती राय को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इसके साथ ही  85 वार्ड के पार्षदों को शपथ दिलाई गई। इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान के अलावा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा सहित बीजेपी नेता मौजूद रहे। इस दौरान  सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं भोपाल की जनता का आभार प्रकट करता हूं और महापौर बहन मालती राय एवं सभी पार्षद बहनों-भाइयों को बधाई देता हूं। आप सभी जनप्रतनिधियों से मेरी अपील है कि जनता के विश्वास को कभी टूटने मत देना। भोपाल की हर गली-मोहल्ले में मैंने साइकिल चलाई है, यहीं के सरकारी स्कूल में पढ़ा हूं। यह मेरा सौभाग्य है कि मुझे भोपाल एवं मध्यप्रदेश की सेवा का अवसर मिला। यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में 150 योजनाएं तथा इतनी ही योजनाएं राज्य सरकार की हितग्राही मूलक हैं। सभी पार्षद पात्र हितग्राहियों को लाभ दिलाने में कोई कसर ना छोड़ें। सीएम शिवराज ने कहा कि एक दिन भोपाल के विकास का पूरा खाका बनाकर हम भोपाल की जनता के साथ फिर बैठेंगे और रोडमैप प्रस्तुत करेंगे। उस रोडमैप में वह चीजें प्रमुखता के साथ होंगी, जो हमने संकल्प पत्र में व्यक्त की हैं। भोपाल अद्भुत शहर है। भोपाल हाईटेक, आईटी और मेट्रो सिटी बन रहा है। देश और दुनिया से भोपाल जो आता है, इसे देखता ही रह जाता है। बड़ा तालाब, छोटा तालाब, चौक बाजार की अद्भुत छटा है। मैं संकल्प लेता हूं कि हम भोपाल के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। मुख्‍यमंत्री ने नवनिर्वाचित पार्षदों को जनसेवा का गुरुमंत्र देते हुए उनसे अपील की कि हमेशा विनम्र बने रहना, जनता की ही सुनना। धैर्य रखते हुए उनकी समस्या सुनना और उसका समाधान करना। आप प्रेम से जनता की सेवा करें। जब जरूरत पड़ेगी तो हमारे विधायक, मंत्री और मुख्यमंत्री भी आपके साथ खड़े रहेंगे। सबका साथ, सबका विकास।। कोई न छूटे, कोई न रूठे।। भोपाल की की आबोहवा खराब न हो, इसलिए पेट्रोल एवं डीजल से चलने वाले वाहनों के बजाय सीएनजी एवं बैटरी से चलने वाले वाहनों को बढ़ायेंगे। शहर में मेट्रो और बसें तो चलेंगी ही, साथ अब केबल कार के माध्यम से हवा में आवागमन की व्यवस्था का भी हमारा प्रयास है। मेरे समस्त पार्षद भाइयों-बहनों आज आप संकल्प लीजिए कि हर घर तिरंगा अभियान के अंतर्गत आपके वॉर्ड के हर घर पर तिरंगा लहरायेगा। वहीं भाजपा के प्रदेशाध्‍यक्ष वीडी शर्मा ने कहा कि मध्यप्रदेश में निकाय चुनाव के समय भाजपा प्रत्याशियों को अपने शहर को "ग्रीन और क्लीन" बनाने का संकल्प मुख्यमंत्री जी ने दिलाया था। सभी विजयी जनप्रतिनिधियों की यह प्रथम जिम्मेदारी है कि अपने वार्ड और अपने शहर को स्वच्छ और हरा-भरा बनाने के लिए कटिबद्ध रहें।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 August 2022

हाई कोर्ट किसानो का भुगतान नहीं करने पर सख्त

  पिछले चार वर्ष से गेहूं खरीदी का भुगतान नहीं हुआ   हाई कोर्ट ने किसानों को गेहूं खरीदी के पैसों का भुगतान नहीं करने पर सख्त टिप्पणी की है। आपो बता दें पिछले चार वर्ष से गेहूं खरीदी का भुगतान नहीं हुआ है। कटनी के प्रमोद कुमार चतुर्वेदी सहित आठ किसानों ने वर्ष 2019 में याचिका दायर की थी। याचिकाकर्ताओं की ओर से अधिवक्ता सुरेन्द्र कुमार मिश्रा ने पक्ष रखा। उन्होंने दलील दी कि किसानों ने वर्ष 2018 में अप्रैल-मई माह में गेहूं बेचा था। जब पैसा नहीं मिला तो किसानों ने 2019 में हाई कोर्ट में याचिका दायर की। शासन की ओर से पैनल लायर जितेन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि महाधिवक्ता कार्यालय से तीन बार रिमाइंडर भेजा गया है, लेकिन कोई जवाब नहीं आया। सुनवाई के बाद हाई कोर्ट ने जुर्माने की राशि जमा करने की शर्त पर जवाब के लिए अंतिम मोहलत दी  है। न्यायमूर्ति विवेक अग्रवाल की एकलपीठ ने अपनी तल्ख टिप्पणी में कहा कि सरकार एक तरफ तो खुद को किसान हितैषी बताती है। लेकिन दूसरी तरफ किसानों से जुड़े मुद्दे पर पिछले तीन साल से जवाब तक पेश नहीं कर सकी है। दरअसल, वर्ष 2018 में खरीदे गए गेहूं का किसानों को अब तक भुगतान न करना सरकार के दोहरे चरित्र को दर्शाता है।  25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाता है। यह राशि जवाब पेश नहीं करने के दोषी अधिकारी से 10 दिन के भीतर वसूल कर हाई कोर्ट विधिक सेवा समिति में जमा कराई जाए। कोर्ट ने जुर्माना राशि जमा कराने की शर्त पर ही सरकार को जवाब पेश करने 10 दिन की मोहलत दी है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 August 2022

कावड़ियों के साथ  मारपीट का मामला

होटल कर्मचारियों ने की मारपीट   इंदौर से कावड़ यात्रा निकाल रहे कावड़ियों को पीटने का मामला सामने आया है। शनिवार को भी इंदौर के पास सिमरोल थाना क्षेत्र में एक होटल के कर्मचारियों ने कावड़ियों से मारपीट की।सावन माह में कावड़ यात्रा निकाली जा रही है। कावड़िये ओंकारेश्वर और अन्य स्थानों से नर्मदा का जल लेकर उज्जैन में भगवान भोलेनाथ का अभिषेक करने जा रहे हैं।   कई जगह श्रद्धालुओं से मारपीट की घटनाएं भी सामने आ रही है।  इस दौरान आठ लोगों के घायल होने की सूचना है। इस दौरान इंदौर के एक होटल में कावड़ियों के साथ होटल कर्मचारियों ने मारपीट कर दी।  घटना सिमरोल थाना क्षेत्र में हुई है। इन कावड़ियों से बलवाड़ा के समीप स्थित होटल बलराज के कर्मचारियों ने मारपीट की है। इस मारपीट में आठ लोग घायल हुए हैं। सूचना मिलने पर मानपुर, खुड़ैल और किशनगंज से पुलिस बल पहुंचा है। स्थिति को नियंत्रित किया जा रहा है।  पुलिस बल मौजूद है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 August 2022

कृषि मंत्री कमल पटेल का हरदा जिले में तिरंगा अभियान

   घरों पर तिरंगा लगाने का दिला रहे हैं संकल्प    पूरे देश में आजादी के 75वे अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में 13 से 15 अगस्त तक तिरंगा अभियान चलाया जा रहा है। वहीं मध्यप्रदेश में भी इस अभियान को लेकर काफी उत्साह है। लोगों ने अभी से तिरंगे को लेकर इस अभियान से जोड़ लिया है। इसी कड़ी में हरदा जिले के गांव- गांव में घर-घर में तिरंगा फहराया जाए इसको लेकर किसान नेता एवं कृषि मंत्री कमल पटेल का तिरंगा अभियान चालू है। मंत्री पटेल  गांव - गांव जा रहे हैं और जन चौपाल लगाकर आम जनों से तिरंगा फहराने और अपने गांव में किसी भी एक जगह पर्यावरण संरक्षण के लिए एक पौधा लगाने का संकल्प दिला रहे हैं। कृषि मंत्री कमल पटेल ने शुक्रवार को हरदा जिले के गाँव के घरो पर तिरंगा फहराने का संकल्प जन चौपाल लगाकर सोडलपुर और टेमागांव के लोगो को दिलाया। इस मौके पर कृषि मंत्री कमल पटेल काफी उत्साहित दिखे।  उनके इस अभियान से बड़ी संख्या में लोग जुड़ रहे हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 August 2022

आप ने 2023 विधानसभा की तैयारी शुरू की

  सदस्यता अभियान के साथ शुरू हुई सभाएं  आम आदमी पार्टी ने निकाय चुनाव में मिली सफलता के बाद 2023 विधानसभा की तैयारियां शुरू कर दी  है। आम आदमी पार्टी ने सिंगरौली में महापौर बनाया। जहां दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने रानी अग्रवाल के लिए रैली और सभा की थी।  आप प्रदेश प्रभारी मुकेश  गोयल ने कहा कि आम आदमी पार्टी निकाय चुनाव की तरह ही विधानसभा चुनाव में अपना अच्छा प्रदर्शन करेगी।  लोगों को दिल्ली विकास का मॉडल पसंद आ रहा है।  वहीं आप प्रदेश अध्यक्ष पंकज सिंह ने कहा कि आम आदमी पार्टी विधानसभा चुनाव बड़े दम के साथ लड़ेगी।  आप सदस्यता अभियान चला रही है।  बड़ी संख्या में लोग आम आदमी पार्टी से जुड़ रहे हैं। आम आदमी पार्टी ने 2023 विधानसभा चुनाव के लिए अपनी तैयारियां शुरू कर दी है।  विधानसभा चुनाव के लिए सागर में बड़ी सभा आयोजित करने के बाद आप पार्टी ने भोपाल में बड़ी  रैली का आयोजन किया। आम आदमी पार्टी ने 2023 विधानसभा के लिए सदस्यता अभियान चलाया है   इसके साथ ही रैली और सभा के माध्यम से लोगों को जागरूक भी कर रही है।  आप पप्रदेश प्रभारी गोयल ने कांग्रेस और बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि आज बीजपी खरीददार पार्टी बनी हुई है। वहीं कांग्रेस के विधायक और पार्षद बिकाऊ हैं। उन्होंने ये भी कहा कि आप विधानसभा चुनाव अच्छे छवि वाले कैंडिडेट को ही टिकट देगी  फिर चाहे वह किसी दूसरी पार्टी से आया हो या आप पपर्टी का कार्यकर्ता हो।  वहीं आप प्रदेश अध्यक्ष पंकज सिंह ने कहा कि 2023 में आम आदमी पार्टी पूरे दम ख़म के साथ चुनाव लड़ेगी। आम आदमी पार्टी को लोगों का समर्थन मिल रहा है। बीजेपी में इन दिनों जमकर भ्र्ष्टाचार चल रहा है। शिवराज सरकार कर्ज में डूबती जा रही है। आम आदमी पार्टी इसलिए भी उत्साहित है क्यूंकि पहली बार निकाय चुनाव में उत्तरी आप ने 41 पार्षद और एक महापौर जीता। वहीं 2023 विधानसभा के लिए आप ने बुंदेलखंड से बिगुल फूंका है।  आज भोपाल में रैली और सभा का आयोजन हुआ।  सदस्यता अभियान के साथ लोगों को जोड़ने की कोशिश की जा रही है। भोपाल के बाद जबलपुर , रीवा के साथ अन्य जिलों में भी सभाये 2023 के लिए की जाएंगी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 August 2022

विकास में भागीदार लोग करते हैं पीएम मोदी से प्यार

  भ्रष्टाचारियों को है जेल में जाने का डर   भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दुर्गेश केसवानी ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के उस बयान पर निशाना साधा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि वे प्रधानमंत्री मोदी से नहीं डरते हैं। भाजपा प्रवक्ता ने उनको आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री श्री मोदी से वही लोग डरते हैं, जिन्हें देश के विकास की नहीं बल्कि अपनी तिजोरियां भरने की चिंता है। डॉ. केसवानी ने कहा कि देश का विकास, उन्नति, एकता और अखंडता चाहने वाला हर व्यक्ति पीएम मोदी से प्यार करता है। वहीं प्रधानमंत्री भी दिन रात इसी प्रयास में हैं कि देश का हर व्यक्ति विकास की धारा से जुड़े और उसे सम्मान पूर्वक जीने का अधिकार मिले।   सुलभ हुआ इलाज, हर निर्धन को मिली छत   डॉ. केसवानी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश को विकसित राष्ट्र बनाने के लिए हर व्यक्ति को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान देने की अनूठी योजना बनाई है। जिन लोगों को इस योजना के तहत पक्के मकान मिले हैं, वे पीएम से प्यार करते हैं। आयुष्मान योजना से जिन लोगों को बेहतर इलाज की सुविधा मिली है, वे पीएम मोदी से प्यार करते हैं। उज्जवला योजना ने चूल्हे के धुंए से 10 करोड़ से ज्यादा माताओं बहनों को मुक्ति दिलाई है। वे भी पीएम के साथ हैं। ऐसे अनेकों योजनाएं हैं, जिन्होंने आम लोगो का तो जीवन बदला है। देश की दशा और दिशा बदली है, देश आज विकास की राह पर अग्रसर है। वहीं जो लोग भ्रष्टाचार के कारण घबराए हुए हैं, वही पीएम मोदी से डर रहे हैं और खुद की घबराहट छिपाने ना डरने का राग अलाप रहे हैं।   डॉ. दुर्गेश केसवानी ( बीजेपी प्रवक्ता )

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 August 2022

मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा भाजपा का विजय अभियान जारी

  14 नगरीय निकायों में से 13 में भाजपा के अध्यक्ष    नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा भोपाल में अभी तक 14 नगरीय निकायों में संपन्न हुए अध्यक्षों के चुनाव में से 13 में भारतीय जनता पार्टी की गौरवशाली विजय हुई है। इस जीत पर नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने सभी अध्यक्षों को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि हर चुनाव की तरह नगरीय निकाय के अध्यक्ष  चुनाव में भी कांग्रेस चारों खाने चित हो गई है। मंत्री भूपेंद्र सिंह ने बताया कि 14 में से 13 नगरीय निकायों में अध्यक्ष पद पर भाजपा के अध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं। कांग्रेस सिर्फ एक स्थान पर अपना अध्यक्ष बना सकी है। नगरीय निकाय चुनाव में भाजपा की एकतरफा जीत हुई है। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि यह गौरवशाली विजय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के विकास और विजन की विजय है। भूपेन्द्र सिंह ने कहा आने वाले दोनों चरणों में भी भाजपा का विजय अभियान इसी तरह जारी रहेगा और कांग्रेस का बुरी तरह से सफाया हो जाएगा। कई स्थानों पर कांग्रेस को प्रस्तावक समर्थक तक नहीं मिले। कई स्थानों पर भाजपा की निर्विरोध जीत हुई। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि पंचायत चुनाव में भी कांग्रेस का सफाया हुआ है। उसी तरह निकायों में भी सफाया हो रहा है। 90 प्रतिशत परिणाम भाजपा के पक्ष में आए हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पर से लोगों का विश्वास उठ चुका है। हर व्यक्ति भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा से प्रभावित होकर जुड़ रहा है। इसी का परिणाम है कि गांव और शहर में कांग्रेस का पराभव हो गया है। नेशनल हेराल्ड मामले पर मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा बिल्डिंग का कमर्शियल उपयोग करने पर सील करने की कार्रवाई होगी। कांग्रेस ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के नाम पर जमीन ली कांग्रेस ने संपत्ति अपने नाम करा ली। जांच कराई जाएगी और उपयोग करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। हर घर तिरंगा अभियान पर दिग्विजय सिंह की आपत्ति से संबधित उन्होंने कहा दिग्विजय सिंह हमेशा भारत के खिलाफ बोलते हैं। तिरंगा लगाने पर उन्हें कौनसा षड्यंत्र समझ में आता है। हमारा उद्देश्य है कि देश के लोग राष्ट्र प्रेम से ओतप्रेत हों आजादी कैसे मिली यह भी लोग जानें। विपक्ष के लोग नहीं चाहते भारत सक्षम हो भारत विश्वगुरू बनने की ओर बढ़ रहा है।     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 August 2022

पूर्व IAS डा.वरदमूर्ति मिश्र राजनीति में उतरे

  मिश्र के निशाने पर बीजेपी कांग्रेस ,आप सपाक्स विकल्प नहीं  मध्यप्रदेश में 2023 के विधानसभा चुनाव दिलचस्प होने के आसार हैं।  आम आदमी पार्टी , सपाक्स के बाद अब दो माह पहले भारतीय प्रशासनिक सेवा की नौकरी छोड़ने वाले डा.वरदमूर्ति मिश्र ने राजनीति में उतरने का मन बना लिया है।  डा.वरदमूर्ति मिश्र ने राजनीति में उतरने की घोषणा की है।  डा.वरदमूर्ति मिश्र ने राजनीति दल का गठन करने की बात कही है ।  डा.मिश्र ने  कहा कि भाजपा से लोग त्रस्त हैं।  पर कांग्रेस को वोट नहीं देना चाहते हैं। निकाय और पंचायत चुनाव में कांग्रेस को जो बढ़त मिली, वह उसकी सफलता नहीं बल्कि भाजपा के प्रति नाराजगी है। मध्य प्रदेश में तीसरे राजनीतिक विकल्प की जरूरत है। इसकी पूर्ति हमारा दल करेगा, जो लोकलुभावन नारों की राजनीति नहीं बल्कि लोगों की जिंदगी में बदलाव लाने का प्रयास करेगा। अब वे  मध्य प्रदेश का भ्रमण करेंगे। डा.वरदमूर्ति मिश्र ने बताया  2022 में आइएएस संवर्ग में पदोन्नति हुई। अभी नौकरी के सात साल बचे थे लेकिन यह पाया कि मैं कुछ बदलाव नहीं कर पा रहा हूं। भले ही न कहें पर अधिकांश अधिकारियों की यही पीड़ा है। मैंने राजनीति में कदम रखने का निर्णय इसलिए किया क्योंकि हमारी व्यवस्था में सभी अधिकार राजनीतिक सत्ता के हाथ में हैं। हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि आम आदमी पार्टी और सपाक्स कोई राजनीतिक विकल्प नहीं है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 August 2022

600 MW की ओंकारेश्वर फ्लोटिंग सौर परियोजना का अनुबंध

  प्रथम चरण में 278 MW बिजली विक्रय के अनुबंध हुए    कुशाभाऊ ठाकरे अंतरराष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर में छह सौ मेगावाट क्षमता की ओंकारेश्वर फ्लोटिंग सौर परियोजना के प्रथम चरण में 278 मेगावाट बिजली विक्रय के अनुबंध कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जिस तरह से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2030 तक पांच सौ गीगावाट सौर ऊर्जा का उत्पादन करने का वादा किया है। वैसे ही मैं भी वादा करता हूं वर्ष 2027 तक मध्य प्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा की क्षमता बढ़ाकर 20 हजार मेगावाट कर दी जाएगी। मप्र को 'लंग्स आफ इंडिया' बनाना मेरा लक्ष्य है।मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि प्रधानमंत्री का वादा पूरा करने में मध्य प्रदेश कोई कसर नहीं छोड़ेगा। उन्होंने बताया कि वर्ष 2012 में प्रदेश में पांच सौ मेगावाट से कम बिजली उत्पादन था, जिसे 10 गुना बढ़ाकर पांच हजार चार सौ मेगावाट कर दिया है।ओंकारेश्वर परियोजना को लेकर उन्होंने कहा की सौर फ्लोटिंग परियोजना अदभुत है। दुनिया में अभी तक ऐसे 10 संयंत्र हैं। जिसमें यह सबसे बड़ी है। यह संयंत्र के लिए आदर्श बांध है। पानी पर पैनल लगाने के कारण जमीन की आवश्यकता नहीं है, तो किसी को हटाना भी नहीं है। वहीं जमीन की तुलना में पानी पर पैनल बिछाने से ज्यादा बिजली बनती है। पानी का वास्पीकरण भी रुकेगा। बिजली बनेगी और भोपाल शहर को 124 दिन जितने पानी की जरूरत पड़ती है, उतना बचेगा। वनस्पति भी नहीं उगेगी तो पानी की शुद्धता भी बनी रहेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री देश के लिए काम करते ही हैं, कई मुद्दों पर दुनिया का भी मार्गदर्शन कर रहे हैं। इस मौके शिवराज ने कहा केवल भाषण से काम नहीं चलेगा । खुद करोगे, तो दूसरों से कहने का अधिकार है। इसलिए मैं अपने बाथरूम और कमरे की बिजली अनावश्यक नहीं जलने देता। पर्याप्त रोशनी है, तो क्यों जलाऊं। किसी और के आने का इंतजार नहीं करता। सीएम हाउस में लड़ाई-झगड़ा करता हूं तो सिर्फ इसलिए कि बगैर जरूरत के बिजली क्यों जल रही है। कई बार धारणा होती है कि सरकारी है जलने दो पर उत्पादन पर खर्च राशि तो आपकी कमाई के टैक्स से ही आती है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 August 2022

संघ प्रमुख डा. मोहन भागवत तीन दिवसीय दौरे पर भोपाल पहुंचे

संघ प्रमुख डा. मोहन भागवत तीन दिवसीय दौरे पर भोपाल पहुंचे    राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरसंघचालक डा. मोहन भागवत तीन दिवसीय दौरे पर  भोपाल पहुंच गए हैं। डा. भागवत संघ के विश्व विभाग के 'विश्व समिति शिक्षा वर्ग-द्वितीय वर्ष" के प्रशिक्षण कार्यक्रम की बैठकों में शामिल होंगे। भोपाल  में 18 जुलाई से चल रहा प्रशिक्षण छह अगस्त को समाप्त हो रहा है। इसमें अमेरिका, कनाडा, मारिशस, सिंगापुर सहित 13 देशों से भोपाल आए 53 स्वयंसेवक प्रशिक्षण ले रहे हैं।डा. भागवत समापन सत्र में भी शामिल होंगे । आपको बता दें  प्रशिक्षण वर्ग में आईं 31 सेविकाएं भारतीय संस्कृति के साथ ही स्वरक्षण एवं घोष का प्रशिक्षण ले रही हैं।   कैबिनेट बैठक में स्कूल शिक्षा विभाग की ट्रांसफर नीति को मिल सकती है मंजूरी  वहीं भोपाल में शिवराज कैबिनेट की बैठक हुई।  बैठक में स्कूल शिक्षा विभाग की ट्रांसफर नीति को  मंजूरी मिल सकती है। नई तबादला नीति के तहत 15 मई तक हर साल हो सकेंगे ट्रांसफर। ऑनलाइन शिक्षकों को करना होगा आवेदन। ऑनलाइन ट्रांसफर में कम से कम 1 और अधिकतम 20 स्कूलों की चॉइस फिलिंग का मौका मिलेगा। नए शिक्षकों को ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों में 3 साल रहना होगा। जनजाति क्षेत्रों में पदस्थ शिक्षकों को प्रोत्साहन भत्ता देने का प्रस्ताव। उत्कृष्ट विद्यालय मॉडल स्कूल और सीएम राइज स्कूल में शिक्षक, प्राचार्य की पदस्थापना विभागीय परीक्षा के माध्यम से होगी। ग्रामीण पत्र विक्रेता ऋण योजना की अवधि 2 साल बढ़ाने का प्रस्ताव। कैबिनेट में फिल्म सम्राट पृथ्वीराज को स्टेट जीएसटी राशि की छूट का लाभ देने का होगा अनुमोदन। राजधानी परियोजना को बंद करने के बाद वन मंडल की गतिविधियों के संबंध में भी हो सकता है फैसला। इसके साथ ही कई और भी फैसले हो सकते हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 August 2022

किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी ने नर्मदा नदी का लिया जल

ज्ञानवापी महादेव मंदिर में जलाभिषेक करने की तैयारी    पशुपतिनाथ अखाड़े की किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी नर्मदा नदी के किनारे ग्वारीघाट पहुंचीं। किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी  मैं अर्धनारीश्वर होते हुए शिवलिंग का जलाभिषेक करूंगी, क्योंकि भगवान शिव भी अर्धनारीश्वर का ही स्वरूप हैं। सनातन धर्म के संत काशी विश्वेश्वर में नर्मदा नदी के जल से अभिषेक करना चाहते हैं। इस पर अब तक कोई फैसला नहीं लिया गया है। पूरा महीना सावन महीना खत्म होने जा रहा है। उन्होंने कहा, एक अर्धनारीश्वर दूसरे नारीश्वर को जल चढ़ाने जा रही है। उन्होंने ये भी कहा, श्रावण मास समाप्त होने वाला है।  आखिरी सोमवार आने को है।  अब तक बनारस में ज्ञानवापी में महादेव मंदिर में जलाभिषेक करने की अनुमति नहीं दी गई है।  इसलिए अब वे नहीं रुकेंगी और यहां से जल लेकर वहां जाएंगी। गौरतलब है कि  किन्नर महामंडलेश्वर ने यहां ऐलान किया था कि वे 8 अगस्त को बनारस के ज्ञानवापी महादेव मंदिर में जलाभिषेक करने के लिए जाएंगी। हिमांगी सखी को प्रथम किन्नर भागवताचार्य का सम्मान भी प्राप्त है।किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी ने कहा कि ज्ञानवापी महादेव का जलाभिषेक करने हर हाल में जाएंगी। भले ही इसके लिए उनको जेल जाना पड़े या फिर  उनकी जान चली जाए।  हिमांगी सखी के साथ  दो दर्जन किन्नर अन्य संत  बनारस के लिए रवाना होंगे । 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 August 2022

 ‘हर घर तिरंगा अभियान’ के लिए किया सुविधा केन्द्र का उदघाटन

 ‘हर घर तिरंगा अभियान’ के लिए किया सुविधा केन्द्र का उदघाटन  वीडी शर्मा ने की तिरंगा लगाने की अपील , कांग्रेस का मानसिक दिवालियापन भोपाल में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने ‘हर घर तिरंगा अभियान’ के लिए किया सुविधा केन्द्र का उदघाटन किया। बीजेपी प्रदेश कार्यालय में आमजनों को राष्ट्रीय ध्वज की  उपलब्धता होगी। प्रदेश अध्यक्ष ने कि प्रदेशवासियों और कार्यकर्ताओं से हर घर तिरंगाअभियान में शामिल होने की अपील की है। आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत 13 से 15 अगस्त के बीच चलने वाले ‘‘हर घर तिरंगा अभियान’’ के तहत हर घर राष्ट्रीय ध्वज लगे इसके लिए हर आम नागरिक को राष्ट्रीय  तिरंगा आसानी से उपलब्ध हो इसलिए भाजपा प्रदेश कार्यालय सहित 1070 मंडलों और जिला केन्द्रों पर सुविधा केन्द्र बनाए जा रहे है। हमारा संकल्प है कि मध्यप्रदेश के हर घर पर पूरे सम्मान के साथ आम नागरिक तिरंगा फहराए। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद  विष्णुदत्त शर्मा ने मंगलवार को प्रदेश कार्यालय, पं. दीनदयाल परिसर में हर घर तिरंगा अभियान के लिए सुविधा केन्द्र का उदघाटन करते हुए कही। इस अवसर पर प्रदेश संगठन महामंत्री  हितानंद  सहित पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे। प्रदेश कार्यालय में बने सुविधा केन्द्र में आमजनों को न्यूनतम शुल्क पर राष्ट्रीय ध्वज उपलब्ध होंगे। आमजन में देशभक्ति की भावना जागृत हो इसके लिए यह अभियान सुविधा केन्द्र के उदघाटन के पश्चात मीडिया से चर्चा करते हुए  विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी, केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह जी व राष्ट्रीय अध्यक्ष  जेपी नड्डा जी ने ‘हर घर तिरंगा’ अभियान के तहत देशवासियों से 13 से 15 अगस्तके बीच अपने घरों पर तिरंगा लगाने की अपील की है। मध्यप्रदेश का हर नागरिक हर घर तिरंगा अभियान में शामिल होकर अपने घर तिरंगा लगाए और आमजन में देशभक्ति की भावनाएं जागृत हो। इसके लिए प्रदेश सरकार और भारतीय जनता पार्टी मध्यप्रदेश अभियान चला रही है। उन्होंने कहा कि यह अभियान प्रदेश भर में बडे स्तर पर संपन्न होगा। आमजन को असुविधा न हो, सभी को राष्ट्रीयध्वज की उपलब्ध हो इसके लिए सरकार द्वारा राष्ट्रीय ध्वज खादीग्रामोद्योग, डाक घर और अन्य शासकीय कार्यालयों के माध्यम से विक्रय हेतु निर्धारित किया है। भारतीय जनता पार्टी द्वारा भी जिला और मंडल स्तर पर सुविधा केन्द्र बनाए जा रहे हैं, ताकि आमजन को अपने घरों पर लगाने के लिए राष्ट्रीय ध्वज आसानी से उपलब्ध हो। प्रदेश अध्यक्ष ने आमजन को प्रोत्साहित करने के लिए राष्ट्रीय ध्वज क्रय किया प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने आमजन को तिरंगा खरीदी हेतु प्रोत्साहन करने के लिए सुविधा केन्द्र से राष्ट्रीय ध्वज क्रय किया। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं और प्रदेशवासियों से अपील करते हुए कहा कि इस वर्ष का स्वतंत्रता दिवस आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत हर घर तिरंगा अभियान का हिस्सा बनकर अपने-अपने घरों पर तिरंगा अवश्य लगाएं और देशभक्ति के भाव के साथ अमृत महोत्सव के पर्व में सहभागी बनें। कांग्रेस मानसिक दिवालियापन से ग्रसित हर घर तिरंगा अभियान पर कांग्रेस द्वारा सवाल उठाए जाने पर शर्मा ने कहा कि कांग्रेस को हर अच्छे अभियान से दिक्कत है। कोरोना काल मेंवैक्सीनेशन के अभियान पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की दुनियाभर में प्रशंसा हुई, उसमे भी कांग्रेस को दर्द हुआ। अब ‘हर घर तिरंगा’ के देशव्यापी अभियान से कांग्रेस को पेट में दर्द हो रहा है। कांग्रेस को देशभक्ति व राष्ट्रभक्ति से हमेशा पीड़ा होती है, यह कांग्रेस का मानसिक दिवालियापन है। उन्होंने कहा कि हर घर तिरंगा लगना यह भारत का सम्मान और अभिमान है। मध्यप्रदेश के हर घर में तिरंगा लहराये यह भारतीय जनता पार्टी का प्रयास है। कांग्रेस अगर इसे राजनीति से जोडती है तो मेरा उनसे आग्रह है कि वह भी आमजन तक राष्ट्रीय ध्वज पहुंचाने की राजनीति करें।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 August 2022

न्यू लाइफ मल्टी स्पेशिएलिटी मामले में गैरइरादतन हत्या का केस

  चार लोगों के खिलाफ एफआईआर , मैनेजर हुआ गिरफ्तार      जबलपुर के न्यू लाइफ मल्टी स्पेशिएलिटी अस्पताल में हुए भीषण अग्निकांड में आठ लोगों की मौत के बाद लोगों में काफी गुस्सा देखा जा रहा है। वहीं मामले में पुलिस ने अस्पताल के डायरेक्टर सहित चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।  आरोपितों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर किया गया है। अस्पताल के मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया गया है।अग्निकांड हादसे की जांच पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्देश पर शुरू कर दी गई है। प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई है कि अस्पताल के डायरेक्टर एवं मैनेजर द्वारा सुरक्षा के इंतजाम नहीं किए गए थे।  जिस कारण अस्पताल में आग लगने के बाद 8 लोगों की मृत्यु हो गई है। अस्पताल के  फायर ब्रिगेड के एनओसी ली गई थी।  वह भी मार्च 2022 में समाप्त हो गई थी। अस्पताल में अग्निशमन यंत्र की व्यवस्थाएं नहीं थीं और ऐसे हादसों की दशा में लोगों के निकलने के लिए कोई दूसरा रास्ता भी नहीं था। अस्पताल सुंदरीकरण में बिल्डिंग के सामने प्लास्टिक और फाइबर की कांच जैसी दिखने वाली सीट लगाई गई थी, जिस कारण आग तेजी से फैली थी। बताया जा रहा है कि अस्पताल के डायरेक्टर डॉक्टर निशांत गुप्ता, डॉ सुरेश पटेल, डॉ संजय पटेल डॉ संतोष सोनी और  मैनेजर राम सोनी के खिलाफ गैर इरादतन हत्या एवं गैर इरादतन हत्या के प्रयास का प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। आरोपित मैनेजर राम सोनी को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। शेष फरार आरोपितों की तलाश जारी है। अब इस मांमले में सियासत शुरू हो गई है।  जहां  विपक्ष ने इसे सरकार की नाकामी बताया वहीं अग्निकांड में बचे मरीजो को देखने सांसद राकेश सिंह और जनप्रतिनिधि मेट्रो अस्पताल पहुंचे।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 August 2022

शिक्षकों की तबादला नीति को लेकर सीएम की बैठक

  नवनियुक्त शिक्षकों को ग्रामीण क्षेत्रों में सेवा देना अनिवार्य   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में शिक्षा नीति को लेकर कैबिनेट बैठक हुई। जिसमे विभागीय प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है । इसके तहत नवनियुक्त शिक्षकों को ग्रामीण क्षेत्रों में सेवा देना अनिवार्य होगा। स्वैच्छिक स्थानांतरण होने पर तीन साल से पहले उस स्थान से नहीं हटाया जाएगा। तबादले के लिए आवेदन आनलाइन देना जरूरी होगा। इसके आदेश भी आनलाइन ही जारी होंगे। गृह मंत्री डा. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग की नवीन स्थानांतरण नीति के अनुसार प्रति वर्ष मार्च में तबादलों की प्रक्रिया की जाएगी। बैठक में मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता ऋण योजना को वर्ष 2023-24 तक जारी रखने का निर्णय लिया गया। योजना में चार लाख ग्रामीण पत्र विक्रेताओं को सरकार अपनी गारंटी पर बैंकों से दह हजार रुपये का ब्याज रहित ऋण दिलवाएगी। प्रदेश के नक्सल प्रभावित बालाघाट, मंडला और डिंडौरी जिले में हाक फोर्स और गुप्तचर शाखा के कर्मचारियों को विशेष भत्ता दिया जाएगा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 August 2022

सिरोंज में मिले दो विदेशी संदिग्ध

  दोनों के पास से ईरान का पासपोर्ट    विदिशा के सिरोंज में पुलिस ने दो विदेशी संदिग्धों को हिरासत में लिया है। दोनों के पास से ईरान का पासपोर्ट है। दोनों संदिग्धों के पास भारत का टूरिस्ट वीसा मिला है। जिससे ये पता चला है कि दोनों पति पत्नी हैं। पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर दी है।  पुलिस दूतावास से भी इनकी जानकारी ले रही है। बताया जा रहा है कि सोमवार रात थाना सिरोंज में ये दोनों विदेशी एक ज्वेलर्स की दुकान में खरीदारी करने गए थे।  यहां दोनों का दुकानदार से विवाद हो गया। विदेशी लोगों को देखकर वहां भीड़ जमा हो गई। किसी के द्वारा  पुलिस को इसकी सूचना दी गई। दुकानदार का आरोप है कि दोनों विदेशी खरीदारी के बहाने पैसे चुराने की घटना को अंजाम देने की कोशिश कर रहे थे। पुलिस उन्हें थाने लेकर आई जहां उनके पास ईरानी पासपोर्ट, भारत के टूरिस्ट प्लेस की एक सूची और वीसा मिला है।  ये  ट्रैवल वीसा पर भारत आना बताया। एसपी मोनिका शुक्ला ने बताया कि  ईरान दूतावास और इमीग्रेशन डिपार्टमेंट को भी इसकी सूचना देकर उन व्यक्तियों के द्वारा दी गयी जानकारी को वेरिफाई किया जा रहा है। वही पूरे मामले में गृहमंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि विदेशी लोगों के मिलने की सूचना मिली है। मामले की जांच की जा रही है। दोनों के पास से ईरान के अल बुर्ज का पासपोर्ट, और अमेरिका, ईरान समेत अन्‍य देश की करंसी मिली है। उनकी उम्र करीब 50 वर्ष है। जिस टैक्सी से वे आये थे उसके ड्राइवर का मोबाइल नंबर बन्द आ रहा है, उसकी भी जांच कराई जा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 August 2022

जुबेर के अकाउंट में हर महीने आये हजारों रुपये

किशोरों-युवाओं का ब्रेनवाश करना था  NIA  ने भोपाल समेत रायसेन सिलवानी में छापेमार कार्रवाई की और संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया।  बताया जा रहा है कि मदरसे में रहकर पढ़ाई करने वाले जुबेर के अकाउंट में हर महीने हजारों रुपये आ रहे थे। इन रुपयों के बदले उसका काम मदरसों में पढ़ने वाले किशोरों और युवाओं का ब्रेन वाश करना था। आतंकियों के हत्थे चढ़ने से एजेंसियों को इनके मोबाइल, लैपटाप और खातों से ISIS  माड्यूल के काम करने के तरीके का पता लगेगा। वहीं, इस माड्यूल से जुड़े अन्य स्लीपर सेल के आतंकियों व मददगारों के गिरफ्त में आने की भी उम्मीद है। प्रदेश में आतंकी संगठन का पर्याय रहे सिमी के पतन के बाद यह माना जा रहा था कि प्रदेश शांति का टापू बन गया है। लेकिन मार्च में जेएमबी और आइएसआइएस माडयूल ने यह बता दिया है कि सब कुछ ठीक नही है। ऐसे में देश के छह राज्यों के साथ मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल और नजदीकी जिले रायसेन में हुई कार्रवाईयों ने आतंकी माड्यूल की परतें खुलने का रास्ता साफ कर दिया है।NIA  के हाथ लगे मुख्य संदिग्ध जुबेर पर कई महीनों से नजर रखी जा रही थी।पहले भी खुफिया इकाई जुबेर के पैतृक गांव सिलवानी पहुंची थी। लेकिन तब उस पर सीधे हाथ नहीं डाला गया।  एजेंसियों को इसके खिलाफ सीधे सबूत नहीं मिल पा रहे थे, इस बीच जुबेर ने इंटरनेट मीडिया पर प्रतिबंधित संगठन और हथियारों से जुड़ी पोस्ट की तो कार्रवाई के लिए मजबूत आधार तैयार हो गया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 August 2022

शासकीय सेवकों के महंगाई भत्ते 34% किए जाने की घोषणा

  सीएम शिवराज ने दी शासकीय कर्मचारियों को बधाई  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने श्रावण माह के तीसरे सोमवार की बधाई देते हुए प्रदेश के शासकीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ता बढ़ाने की महत्वपूर्ण घोषणा की है। प्रदेश के शासकीय सेवकों के महंगाई भत्ते, जो वर्तमान में 31% है, को 3% बढ़ाकर 34% किए जाने का निर्णय लिया है । यह महंगाई भत्ता, केंद्र सरकार के शासकीय सेवकों के बराबर होगा। बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता, अगस्त के वेतन से जो माह सितंबर में भुगतान होगा, से दिया जाएगा ।इस निर्णय से इस वित्तीय वर्ष में लगभग रुपए 625 करोड़ का अतिरिक्त वित्तीय भार आएगा ।पेंशनर्स की मंहगाई राहत को भी छत्तीसगढ़ से सहमति प्राप्त कर इसी अनुसार बढ़ाया जाएगा । मुखयमंत्री शिवराज ने कहा मध्यप्रदेश के हमारे शासकीय सेवकों को अभी 31% महंगाई भत्ता मिलता है। 11% पिछली बार हमने एक साथ बढ़ाया था, लेकिन आज हम यह फैसला कर रहे हैं कि अब 34% महंगाई भत्ता मध्यप्रदेश के शासकीय सेवकों को देंगे। यह फैसला अगस्त माह के वेतन, जिसका भुगतान सितंबर में होगा उससे हम लागू कर रहे हैं। शासन के ऊपर लगभग 625 करोड़ रुपए का अतिरिक्त वित्तीय भार आएगा, लेकिन साढ़े सात लाख से अधिक कर्मचारी भाई-बहनों को इसका लाभ मिलेगा, इसलिए उनकी बेहतरी के लिए हमने यह फैसला किया है। शुभकामनाएं 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 August 2022

NIA की कार्रवाई  के बाद पुलिस को किया गया अलर्ट

  संदिग्ध किरायेदारों की जानकारी मकान मालिक पुलिस को दें  रायसेन के सिलवानी में भी छापेमारी की गई थी। गृहमंत्री ने कहा कि इस घटनाक्रम के बाद प्रदेश में पुलिस को अलर्ट किया जाएगा कि ऐसे संदिग्ध लोगों के बारे में जानकारी लें। उन्‍होंने मकान मालिकों से भी संदिग्ध लोगों को अपना मकान किराये पर न देने और किरायेदार के बारे में संबंधित थाने को जानकारी देने की अपील की है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि एनआइए की टीम द्वारा दो लोगों को हिरासत में लिया गया था। हालांकि पूछताछ के बाद दोनों को छोड़ दिया गया। इन्होंने आइएसआइएस नाम से एक टेलीग्राम ग्रुप बनाया हुआ था। इसकी जांच के लिए मोबाइल और लैपटॉप के क्लोन बनाकर एनआइए की टीम अपने साथ लेकर गई है। गृहमंत्री मिश्रा ने बताया कि दोनों संदिग्‍धों को धारा 160 के तहत नोटिस देकर तलब किया गया था।  आपको बता दें बिहार के फुलवारी शरीफ केस के सिलसिले में राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने रविवार को देश के छह राज्‍यों में 13 जिलो में छापामार कार्रवाई की थी। मध्‍य प्रदेश में भी भोपाल और रायसेन के सिलवानी में भी एनआइए की टीमों ने दबिश देते हुए दो संदिग्‍ध आतंकियों को हिरासत में लिया गया था।  उनके कब्‍जे से आपत्‍तिजनक सामग्री जब्‍त की गई थी। इनइस घटना के बाद राज्‍य की पुलिस भी अलर्ट मोड पर है। गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा ने कहा कि राज्‍य में संदिग्‍ध किराएदारों की निगरानी की जाएगी। उन्‍होंने मकान मालिकों से भी अपील की है कि किसी संदिग्‍ध व्‍यक्‍ति को मकान या कमरा किराये पर न दें। इस दौरान नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि दिग्विजय सिंह को राम , राष्ट्र और राष्ट्रध्वज से इतनी तकलीफ क्यों है। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है की दिग्विजय सिंह राघौगढ़ में ध्वज फहराएंगे और सबको तिरंगा फहराने को लेकर प्रेरित करेंगे।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 August 2022

शासकीय मेडिकल कालेज के सात छात्र निलंबित

  जूनियर छात्रों के साथ रैगिंग का है  मामला  रतलाम में शासकीय मेडिकल कालेज के सीनियर छात्रों ने 28 और 29 जुलाई की दरमियानी रात 12 बजे जूनियर छात्रों की रैगिंग की।  सीनियर छात्रों ने जूनियर छात्रों को कतार में खड़ा करके उन पर थप्पड़ बरसाए थे। जिसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ। किसी छात्र ने जूनियर छात्रों के साथ की जा रही मारपीट और रैगिंग का वीडियो बना लिया था। बाद में यह वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ। इसके बाद मामला उजागर होने पर मेडिकल कालेज प्रशासन द्वारा मामला जांच के लिए अनुशासन कमेटी को सौप दिया था। अनुशासन कमेटी ने जांच पूरी कर कालेज प्रशासन को जांच रिपोर्ट सौंप दी है। सूत्रों के अनुसार जांच रिपोर्ट में सात छात्रों को अनुशासनहीनता का दोषी पाया गया है। कमेटी ने आरोपित छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा की। उसके बाद कालेज प्रशासन ने आरोपित छात्रों को छह माह के लिए होटल से निलंबित कर दिया।रतलाम में शासकीय मेडिकल कालेज के सीनियर छात्रों पर एक्शन हुआ है। छात्रों को हास्टल में जूनियर छात्रों के साथ की गई मारपीट के मामले की अनुशासन समिति ने जांच पूरी कर ली है। अनुशासन समिति की जांच में 7 छात्रों को दोषी करार दिया गया । इसके बाद मेडिकल कालेज प्रशासन ने आरोपित सातो छात्रों को छह माह के लिए हास्टल से ससपेंड  कर दिया है। छात्रों के  खिलाफ़ औद्योगिक थाना क्षेत्र में FIR  भी दर्ज करवाई गई है। पुलिस ने आरोपी छात्रों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 July 2022

NIA का भोपाल रायसेन सिलवानी में छापा

  चार संदिग्ध हिरासत में ,ठिकानों से आपत्‍तिजनक सामग्री मिली  NIA राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी  की टीम ने  मध्यप्रदेश के भोपाल और रायसेन  के साथ  सिलवानी में छापामार कार्रवाई की। कार्रवाई में  चार संदिग्‍ध लोगों को गिरफ्तार किया गया  है। भोपाल में एनआइए की टीम ने गांधीनगर से एक युवक को हिरासत में लिया  है।एनआइए की करीब 12 सदस्यी टीम दिल्ली से आई थी। घर की संज्ञान तलाशी ली गई मोबाइल से लेकर सारी चीजों की छानबीन की गई। जुबेर के भाई नबेद पिता सफीक मंसूरी अभी सिलवानी थाने में बैठा कर एनआइए टीम ने पूछताछ की है। इसके अलावा अलावा पुराने भोपाल के मदरसे में पढ़ने वाले एक  युवक को भी हिरासत में लिया है। यह युवक इंटरनेट मीडिया पर काफी सक्रिय था। एनआइए टीम ने इस बार छापामार कार्रवाई में स्‍थानीय पुलिस का भी सहयोग लिया। बताया जा रहा है कि एनआइए को इन लोगों के प्रतिबंधित आतंकी संगठन आइएसआइएस से जुड़े होने की सूचना पर मिली थी। एनआइए टीम ने इन संदिग्‍धों के ठिकानों से कुछ आपत्‍तिजनक सामग्री भी जब्‍त की है।  शनिवार रविवार को सुबह एनआइए की टीम ने रायसेन के वार्ड क्रमांक चार ईदगाह क्षेत्र , सिलवानी के वार्ड नंबर 12 में स्थित नूरपुरा में काईवाई की है। NIA ने  कार्रवाई कर युवक को पकड़ा है। उसके घर की पड़ताल करने के बाद सील कर गया। युवक के बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं है। बताया जाता है कि उससे मिली जानकारी के बाद एनआइए ने रविवार को सुबह 7 बजे से लेकर 10 बजे तक सिलवानी के वार्ड 12 नूरपुरा में छापामार कार्रवाई की है। सिलवानी के नूरपुरा में स्थित जुबेर पिता सफीक मंसूरी के निवास पर, जो भोपाल के एक मदरसा में शिक्षा प्राप्त कर रहा है, उसके घर पर एनआइए ने हर पहलू पर बारीकी से जांच की है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 July 2022

महर्षि चरक के आयुर्वेद में योगदान याद करने का समय

  आज विदेशी भी अपना रहे हैं भारतीय आयुर्वेद सावन महीने की पंचमी को चरक जयंती मनाई जाती है। आयुर्वेद के ग्रंथ भावप्रकाश के अनुसार आज के ही दिन आयुर्वेद के महान आचार्य चरक का भी जन्म हुआ था। कहा जाता है कि आयुर्वेद को जानने और समझने के लिए आचार्य चरक के चिकित्सा सिद्धांतों को समझना बहुत जरूरी है। इसलिए आयुर्वेद के चिकित्सकों के बीच आचार्य चरक का महत्व सबसे ज्यादा है। चरक आयुर्वेद के पहले चिकित्सक थे, जिन्होंने भोजन के पाचन और रोगप्रतिरोधक क्षमता की अवधारणा को दुनिया के सामने रखा। भारत ही नहीं बल्कि, पूरे विश्व में चरक एक महर्षि एवं आयुर्वेद विशारद के रूप में जाने जाते हैं। उन्होंने आयुर्वेद का प्रमुख ग्रंथ ‘चरक संहिता’ लिखा था। मौजूदा दौर में भारतीय आयुर्वेद को देश के साथ ही विदेश में भी अपनाया जा रहा है और कारगर माना जा रहा है। इसलिए आचार्य चरक को याद करते हुए आज चर्चा करते हैं उनके आयुर्वेदिक सिद्धांतों पर और भारतीय परिपेक्ष में आयुर्वेद पर। चरक संहिता आयुर्वेद का प्राचीनतम ग्रंथ है, जिसमें रोगनिरोधक व रोगनाशक दवाओं का उल्लेख मिलता है। इसके साथ ही साथ इसमें सोना, चांदी, लोहा, पारा आदि धातुओं से निर्मित भस्मों और उनके उपयोग की विधि भी बताई गई है। आज हम जिस आयुर्वेद को देखते हैं वह महर्षि पतंजलि और महर्षि चरक के श्रम और साधना का ही परिणाम है। आयुर्वेद विश्व की प्राचीनतम चिकित्सा प्रणालियों में से एक है। आयुर्वेद, भारतीय आयुर्विज्ञान है। आयुर्विज्ञान, विज्ञान की वह शाखा है जिसका सम्बन्ध मानव शरीर को निरोग रखने, रोग हो जाने पर रोग से मुक्त करने अथवा उसका शमन करने तथा आयु बढ़ाने से है। आयुर्वेदीय चिकित्सा विधि सर्वांगीण है। आयुर्वेदिक चिकित्सा के उपरान्त व्यक्ति की शारीरिक तथा मानसिक दोनों दशाओं में सुधार होता है। आयुर्वेदिक औषधियों के अधिकांश घटक जड़ी-बूटियों, पौधों, फूलों एवं फलों आदि से प्राप्त की जातीं हैं। अतः यह चिकित्सा प्रकृति के निकट है। व्यावहारिक रूप से आयुर्वेदिक औषधियों के कोई दुष्प्रभाव (साइड-इफेक्ट) देखने को नहीं मिलते।अनेकों जीर्ण रोगों के लिए आयुर्वेद विशेष रूप से प्रभावी है। आयुर्वेद न केवल रोगों की चिकित्सा करता है बल्कि रोगों को रोकता भी है।आयुर्वेद भोजन तथा जीवनशैली में सरल परिवर्तनों के द्वारा रोगों को दूर रखने के उपाय सुझाता है। आयुर्वेदिक औषधियाँ स्वस्थ लोगों के लिए भी उपयोगी हैं।आयुर्वेदिक चिकित्सा अपेक्षाकृत सस्ती है क्योंकि आयुर्वेद चिकित्सा में सरलता से उपलब्ध जड़ी-बूटियाँ एवं मसाले काम में लाये जाते हैं।आयुर्वेदीय चिकित्सा विधि सर्वांगीण है एवं इस चिकित्सा के उपरान्त व्यक्ति की शारीरिक तथा मानसिक दोनों दशाओं में सुधार होता है।आयुर्वेदिक औषधियों के अधिकांश घटक जड़ी-बूटियों, पौधों, फूलों एवं फलों आदि से प्राप्त की जातीं हैं। अनेकों जीर्ण रोगों के लिए आयुर्वेद विशेष रूप से प्रभावी है।आयुर्वेद न केवल रोगों की चिकित्सा करता है बल्कि रोगों को रोकता भी है। आयुर्वेदिक चिकित्सा अपेक्षाकृत सस्ती है क्योंकि आयुर्वेद चिकित्सा में सरलता से उपलब्ध जड़ी-बूटियाँ एवं मसाले काम में लाये जाते हैं। गत दिनों पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा था कि आयुर्वेद विशेषज्ञों से रोगों के उपचार एवं महामारी विज्ञान के नए-नए क्षेत्रों में आयुर्वेद की प्रभावशीलता एवं लोकप्रियता को बढ़ाने का आह्वान करते हुए कहा कि भारत के गांवों में आज भी पारंपरिक आयुर्वेद चिकित्सा पद्धतियां प्रचलित हैं। उन्होंने कहा था कि अभी भी किसी अन्य चिकित्सा पद्धति ने इसका स्थान नहीं लिया है।   (प्रवीण कक्कड़) 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 July 2022

गुंडों वाली मानसिकता है दिग्विजय सिंह की

  दिग्‍विजय को गुंडा कांग्रेस का अध्‍यक्ष बनाने की सलाह राजधानी में शुक्रवार को जिला पंचायत अध्‍यक्ष के चुनाव के दौरान कलेक्‍ट्रेट परिसर के बाहर भाजपा और कांग्रेस के नेताओं के बीच तीखी तकरार और इसी बीच पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्‍विजय सिंह द्वारा पुलिस के साथ झूमाझटकी करने के फोटो, वीडियो वायरल हो रहे हैं।  चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने   दिग्विजय सिंह को गुंडा कांग्रेस का अध्यक्ष बनाने के लिए सोनिया गांधी को पत्र लिखा है। कल का दिन मप्र के इतिहास में भाजपा के नाम रहा है। 51 में से 41 जगह जीत हुई है। इस लोकतंत्र की पूरी प्रक्रिया को शर्मसार करने का काम कांग्रेस ने किया है। कांग्रेस जमकर गुंडागर्दी की उसका नेतृत्व दिग्विजय सिंह ने किया।भोपाल के गुंडों के इकट्ठा कर चुनाव को रोकने का प्रयास किया गया। दो दिन पहले सदस्यों को उठाया मोहन जाट को राजस्थान में बंधक बनाया। दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में जिला पंचायत के चुनाव रोकने के लिए गुंडागर्दी की गई। सैकड़ों की भीड़ जमा कर कानून को हाथ में लेकर काम किया। सारंग ने कहा दिग्विजय सिंह ने मेरे साथ में भी बदतमीजी की है।  एसीपी उमेश तिवारी के साथ दिग्गी ने झूमाझटकी कर मारपीट की है। इससे पहले भी पैरामेडिकल जवान के साथ गुंडागर्दी करने की तस्वीर सामने आई है। उन्होंने कहा मैंने सोनिया गांधी को पत्र लिखा है की गुंडा कांग्रेस का अध्यक्ष दिग्विजय सिंह को बना देना चाहिए। इस मसले पर भाजपा दिग्‍विजय के खिलाफ लगातार हमलावर है। प्रदेश के चिकित्‍सा शिक्षा मंत्री विश्‍वास सारंग ने भी दिग्‍विजय पर हमला बोला है और कांग्रेस की राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर दिग्‍विजय को गुंडा कांग्रेस का अध्‍यक्ष बनाने की सलाह दी है। पत्र के साथ विश्‍वास सारंग ने वह फोटो भी सलंग्‍न किया है, जिसमें दिग्‍विजय सिंह का हाथ एक पुलिस अधिकारी के गिरेबान पर है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 July 2022

मप्र में भाजपा ने कांग्रेस को किया क्लीन स्वीप

  भाजपा ने लोगों के दिलों में जगह बनाई है  भोपाल में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव परिणामों में मप्र में भाजपा द्वारा कांग्रेस को दिए गए क्लीन स्वीप के बाद भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दुर्गेश केसवानी ने कहा है कि प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी की न्यू इंडिया विजन, मुख्यमंत्री माननीय श्री शिवराज सिंह चौहान की सेवा और प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा की चुनावी रणनीति का ही परिणाम है कि भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर साबित किया है कि भाजपा आज हर नागरिक के दिल में अपनी विशिष्ट जगह बना चुकी है। डॉ. केसवानी ने कहा कि चुनाव से पहले कांग्रेस द्वारा भाजपा को शहर की पार्टी कहकर कार्यकर्ताओं का मनोबल तोड़ने का प्रयास किया गया। हालांकि नगरीय निकाय चुनाव परिणामों में भी भाजपा ने अपनी रणनीति और प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा किए गए विकास और न्यू इंडिया विजन का लोहा मनवाया, लेकिन त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिणामों ने यह साबित कर दिया है कि भाजपा आज देश और प्रदेश के कोने कोने में बैठे लोगों की दिल में जगह बना चुकी है।    65 हजार बूथों पर पहले डिजीटली फिर प्रत्यक्ष किया निरीक्षण   डॉ. केसवानी ने बताया कि इस जीत के लिए कार्यकर्ताओं ने दिन रात मेहनत की है। प्रदेश के 65 हजार बूथों पर भाजपा पहले डिजीटली पहुंची। बूथों के डिजीटल निरीक्षण के बाद भी कार्यकर्ता घर पर नहीं बैठे, बल्कि प्रत्यक्ष पहुंचकर बैठकें ली। इस दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा भारत के विकास के लिए किए जा रहे कार्यों और न्यू इंडिया विजन को प्रदेश के कोने कोने में पहुंचाया गया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा 15 सालों की सेवा की जानकारी भी हर बूथ तक और कार्यकर्ताओं तक पहुंचाई गई। यह सीएम श्री शिवराज की मेहनत का ही परिणाम है, जिसके कारण प्रदेश विकास के मामले में नए कीर्तिमान रच रहा है। वहीं प्रदेश अध्यक्ष माननीय श्री वीडी शर्मा की कुशल रणनीति के कारण ही भाजपा ने इतनी बड़ी जीत हासिल की है।  कुछ इस तरह रहे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 2022 के चुनाव परिणाम :    कुल जिला पंचायतों की संख्या : 52 भाजपा : 41 कांग्रेस : 10 कोर्ट स्टे : 01   कुल जनपद पंचायतों की संख्या : 313 भाजपा : 227 कांग्रेस : 65 अन्य : 21 कोर्ट स्टे : 01   कुल ग्राम पंचायतें : 22924 भाजपा समर्थित : 20613  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 July 2022

मप्र में भाजपा ने कांग्रेस को किया क्लीन स्वीप

  भाजपा ने लोगों के दिलों में जगह बनाई है  भोपाल में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव परिणामों में मप्र में भाजपा द्वारा कांग्रेस को दिए गए क्लीन स्वीप के बाद भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दुर्गेश केसवानी ने कहा है कि प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी की न्यू इंडिया विजन, मुख्यमंत्री माननीय श्री शिवराज सिंह चौहान की सेवा और प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा की चुनावी रणनीति का ही परिणाम है कि भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर साबित किया है कि भाजपा आज हर नागरिक के दिल में अपनी विशिष्ट जगह बना चुकी है। डॉ. केसवानी ने कहा कि चुनाव से पहले कांग्रेस द्वारा भाजपा को शहर की पार्टी कहकर कार्यकर्ताओं का मनोबल तोड़ने का प्रयास किया गया। हालांकि नगरीय निकाय चुनाव परिणामों में भी भाजपा ने अपनी रणनीति और प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा किए गए विकास और न्यू इंडिया विजन का लोहा मनवाया, लेकिन त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिणामों ने यह साबित कर दिया है कि भाजपा आज देश और प्रदेश के कोने कोने में बैठे लोगों की दिल में जगह बना चुकी है।    65 हजार बूथों पर पहले डिजीटली फिर प्रत्यक्ष किया निरीक्षण   डॉ. केसवानी ने बताया कि इस जीत के लिए कार्यकर्ताओं ने दिन रात मेहनत की है। प्रदेश के 65 हजार बूथों पर भाजपा पहले डिजीटली पहुंची। बूथों के डिजीटल निरीक्षण के बाद भी कार्यकर्ता घर पर नहीं बैठे, बल्कि प्रत्यक्ष पहुंचकर बैठकें ली। इस दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा भारत के विकास के लिए किए जा रहे कार्यों और न्यू इंडिया विजन को प्रदेश के कोने कोने में पहुंचाया गया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा 15 सालों की सेवा की जानकारी भी हर बूथ तक और कार्यकर्ताओं तक पहुंचाई गई। यह सीएम श्री शिवराज की मेहनत का ही परिणाम है, जिसके कारण प्रदेश विकास के मामले में नए कीर्तिमान रच रहा है। वहीं प्रदेश अध्यक्ष माननीय श्री वीडी शर्मा की कुशल रणनीति के कारण ही भाजपा ने इतनी बड़ी जीत हासिल की है।  कुछ इस तरह रहे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 2022 के चुनाव परिणाम :    कुल जिला पंचायतों की संख्या : 52 भाजपा : 41 कांग्रेस : 10 कोर्ट स्टे : 01   कुल जनपद पंचायतों की संख्या : 313 भाजपा : 227 कांग्रेस : 65 अन्य : 21 कोर्ट स्टे : 01   कुल ग्राम पंचायतें : 22924 भाजपा समर्थित : 20613  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 July 2022

सीहोर में पंचायत चुनाव के बाद पंच से मारपीट

  मारपीट का वीडियो वायरल , मामला दर्ज हुआ    सीहोर में  जिला पंचायत के लिए अध्‍यक्ष और  उपाध्‍यक्ष का चुनाव हुआ।  जीत को लेकर ग्राम बरखेड़ा हसन में  जुलूस निकाला गया। जिसमें त्रिस्तरीय चुनाव में भाजपा समर्थित हारे हुए प्रत्याशी के समर्थक भी शामिल हुए। इन समर्थकों ने पंचायत भवन के सामने आतिशबाजी की। जिसके बाद पंचायत में मौजूद कर्मचारियों और पंचों ने इसका विरोध किया। जिसको लेकर  कहा-सुनी हुई और इसके बाद  हाथपाई शुरू हो गई। फिर लाठियां चली। मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया में जमकर  इस घटना का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि पंच राकेश राजपूत पंचायत भवन में सोनू सेन और सहायक सचिव महेश लोधी के साथ थे। इस दौरान ही भाजपा समार्थितों का जुलूस पंचायत भवन के सामने से निकला और दोनों पक्षों के बीच कहा-सुनी हुई। तभी हेमराज लोधी, सूरज सिंह लोधी और उसके बेटे लाठियां लेकर पंचायत भवन में आए और तोड़फोड़ करने लगे। वीडियो में आरोपित हेमराज लाठियां चला रहा था और कह रहा था कि मेरी सरकार है।  मुझे हराया तुमने, मैं जान से मार दूंगा। राकेश राजपूत ने बताया कि हम पंचायत भवन में बैठे थे। आरोपित पटाखे जला रहे थे। पटाखे पंचायत भवन में फेंकने लगे। मना करने पर मारपीट की। मामले को लेकर थाना अहमदपुर प्रभारी शैलेंद्र तोमर  आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया  है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 July 2022

जनपद पंचायत में कई जिलों से कांग्रेस की शिकायत

  बीजेपी पर कोंग्रेस ने सदस्यों उठाने का आरोप  मध्यप्रदेश में जिला पंचायत अध्यक्षों के चुनाव में कई नए मोड़ आ रहे हैं।  कहीं बीजेपी तो कहीं कांग्रेस का कब्ज़ा हो रहा है।सीहोर जिला पंचायत अध्यक्ष को लेकर भोपाल में बवाल हुआ। सीहोर के जिला पंचायत सदस्यों को भोपाल की खजूरी पुलिस उठाकर थाने ले आई। जानकारी लगने पर बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता थाने पहुंच गए। कांग्रेसियों का आरोप है कि उनके ऊपर भाजपा में शामिल होने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। वहीं इस बीच  मुरैना में कांग्रेस ने पुलिस पर कांग्रेस समर्थित जिला पंचायत सदस्यों को उठाने का आरोप लगाया है। जिसको लेकर कांग्रेसियों ने एसपी ऑफिस का घेराव करते हुए नारेबाजी की। यही हाल जबलपुर और सीहोर का भी है। आपको बता दें गुरुवार रात कांग्रेस के पूर्व मंत्री रामनिवास रावत, विधायक राकेश मावई, अजब सिंह कुशवाह, रविन्द्र सिंह तोमर, सतीश सिकरवार, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अशोक सिंह समेत करीब 100 कांग्रेसी एसपी ऑफिस पहुंच गए। वे यहां धरने पर बैठ गए। आरोप है कि जौरा, बागचीनी व कैलारस पुलिस ने उनके दो जिला पंचायत सदस्यों को किडनैप कर लिया है। यह काम केन्द्रीय मंत्री के इशारे पर किया गया है, जिससे वे जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में मतदान न कर सकें। इसके बाद सभी नेताओं को गिरफ्तार कर पुलिस वैन से सिविल लाइन लाकर नजरबंद किया गया।  श्योपुर  की बात करें तो 11 में से 6 सदस्य कांग्रेस और 5 भाजपा के हैं। कांग्रेस के 6 सदस्यों में से एक वार्ड 7 से चयनित सदस्य संदीप शाक्य को  कैलारस पुलिस ने उसके मामा के घर से उठा लिया। इसके बाद गुरुवार को दूसरे सदस्य वार्ड 4 के गिरधारी लाल बैरवा व वार्ड-1 के सुरेश कुमार लालावत को भी पुलिस ने उठा लिया। जबलपुर में कांग्रेस के विधायकों और पार्टी पदाधिकारियों ने भाजपा नेताओं पर जिला पंचायत सदस्य हीराबाई साहू के पति रामेश्वर साहू के अपहरण का आरोप लगाया है। कांग्रेस विधायकों ने ओमती थाने पहुंचकर विरोध जताया। कांग्रेस का कहना था कि चुनाव जीतने के लिए भाजपा नेता, पुलिस की मिलीभगत से राजनीति कर रहे हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 July 2022

युवक के साथ मारपीट पेट्रोल डालकर लगाई आग

  आरोपी की तलाश जारी , पीड़ित युवक ट्रेनों में देता है खाना  भोपाल के छोला मंदिर थाना इलाके में तीन लोगों ने एक युवक के साथ जमकर मारपीट की। इसके बाद उसके ऊपर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी। आग लगने से  युवक झुलस गया है। पीड़ित युवक की मां की शिकायत पर पुलिस ने तीन अज्ञात आरोपितों के खिलाफ मारपीट कर आग लगाने का केस दर्ज कर लिया है।  पुलिस के मुताबिक 25 वर्षीय रमेश अहिरवार पुत्र ओमकार अहिरवार न्यू ब्लाक कैंची छोला में परिवार के साथ रहता है। रमेश चलती ट्रेनों में खान–पान की सामग्री बेचने का काम करता है।  रात में वह ट्रेन से उतरकर पैदल अपने घर जा रहा था। इस दौरान रात करीब साढ़े दस बजे रेल पटरियों के पास अंधेरे में उसे तीन लोगों ने रोक लिया। और उसकी बेरहमी से पिटाई शुरू कर दी।  इसके बाद रमेश पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी। आग से बचने के लिए रमेश ने अपने कपड़े भी उतारकर फेंक दिए। इसके बाद भी वह झुलस गया। रमेश को परिजनों ने  हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया। इसके बाद छोला मंदिर थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने घसीटीबाई अहिरवार की शिकायत पर तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ मारपीट कर आग से जलाने का केस दर्ज किया है। हालांकि अभी आरोपितों के बारे में कुछ पता नहीं चल सका है। पुलिस सीसीटीवी की मदद से आरोपियों को  तलाश रही है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 July 2022

फिर से बढ़े कोरोना संक्रमण के मामले

  भोपाल में कोरोना मरीजों की संख्या 50 देश के साथ मध्यप्रदेश में भी एक बार फिर कोरोना के आकड़े  बढ़ने लगे  है।  राजधानी भोपाल में भी कोरोना संक्रमण के मरीज बढ़े  है। बुधवार को भोपाल में कोरोना मरीजों की संख्या 50 से ऊपर पहुंच गई। यहां 514 सैंपलों की जांच की गई, जिनमें से 51 मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्‍टि हुई। यानी संक्रमण दर 10 प्रतिशत तक पहुंच गई है। भोपाल में 468 सैंपलों की जांच में 34 मरीज मिले हैं। चिंता की बात यह है कि भोपाल में सोमवार से बुधवार के बीच लगातार तीन दिन में तीन मरीजों की मौत भी हुई है।  चिरायु मेडिकल कालेज में 73 साल के एक बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया। भोपाल में  मरीजों की संख्या अब 305 हो गई है। राहत की बात यह है कि इसमें सिर्फ आठ मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। बाकी होम आइसोलेशन में हैं।  बुधवार को प्रदेश में 7948 सैंपलों की जांच में 244 मरीज मिले हैं। प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या 1580 है। इनमें 57 मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। बाकी होम आइसोलेशन में रहते हुए अपना इलाज करा रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 July 2022

उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने आग लगा देने की धमकी दी

  जनपद अध्यक्ष पद पर कांग्रेस समर्थित विंध्या पवार का कब्जा    उज्जैन में जनपद अध्यक्ष पद पर कांग्रेस समर्थित विंध्या पवार का कब्जा हुआ।  और इसके बाद शुरू हुई सियासत और तड़फोड़ । हार से गुस्साए भाजपाइयों ने जमकर तोड़फोड़ कर दी। उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने एडीएम को खरीखोटी सुनाते हुए आग लगा देने तक की धमकी दे डाली। विवाद  प्रॉक्सी वोट डालने को लेकर हुआ था । कांग्रेस ने कहा कि प्रॉक्सी वोट परिवार का सदस्य ही डाल सकता है। इसी बात को लेकर भाजपा और कांग्रेस मेें विवाद हो गया। कलेक्टर आशीष सिंह पहुंचे तो कांग्रेस विधायक महेश परमार और उनके बीच विवाद हो गया। पुलिस को बीच बचाव करना पड़ा। वहीं दतिया के नयाखेड़ा में नवनिर्वाचित गिरधर लोधी की हार्ट अटैक से मौत हो गई। शाजापुर जनपद कार्यालय के बाहर कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच जमकर हाथापाई हुई। वहीं भोपाल. राजधानी से सटी फंदा जनपद पंचायत में भाजपा ने हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा को जिम्मा दिया था। इसके बाद 18 जुलाई को कुल 17 सदस्यों को लेकर भाजपा की एक टीम पहले तिरुपति, फिर दिल्ली, मथुरा, जयपुर समेत 8 स्थानों पर घुमती रही।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 July 2022

राहुल ,कमलनाथ देश और प्रदेश में हर मोर्चे पर फेल

  अपनी नाकामी छिपाने कार्यकर्ताओं की ले रहे हैं परीक्षा भोपाल। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा हाल ही में आयोजित मीडिया कमेटी की परीक्षा पर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दुर्गेश केसवानी ने तंज कसा कसते हुए इस परीक्षा पर ही सवालिया निशान लगा दिया है। उन्होंने कहा है कि केंद्र में राहुल गांधी फेल और एमपी में कमलनाथ और पूरी कांग्रेस फेल हो गई है। तो इस तरह के एग्जाम क्यों कंडक्ट किए जा रहे हैं। भाजपा प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि नाथ अपनी और राहुल की फैलियर छिपाने कार्यकर्ताओं को परेशान कर रहे हैं। इससे केवल और केवल कार्यकर्ताओं का मनोबल गिरेगा। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी और कमलनाथ हर मोर्चे और हर चुनाव में फेल साबित हुए हैं। देश और प्रदेश की जनता का भरोसा कांग्रेस से उठ गया है। उन्होंने कहा कि कोई ऐसा एग्जाम भी हो, जिसमें राहुल गांधी और कमल नाथ सहित सभी दिग्गजों की दक्षता को आंका जाए। जिससे पता चले की पार्टी की भविष्य में दिशा और दशा क्या होगी? नटवर, अजीज और पीके ने भी दिखाया है आईना भाजपा प्रवक्ता ने बताया कि राहुल के नेतृत्व को कांग्रेस के वरिष्ठ लोग ही नकार चुके हैं। हाल में नटवर सिंह ने कहा है कांग्रेस को सोनिया गांधी और राहुल गांधी की जरूरत नहीं है। जबकि इन दोनों को कांग्रेस की जरूरत है। नटवर ने आरोप लगाया कि जब तक इन दोनों या गांधी परिवार में किसी के भी हाथ कांग्रेस की बागडोर रहेगी तो वे किसी भी योग्य व्यक्ति को आगे नहीं आने देंगे। अजीज कुरैशी ने भी राहुल गांधी को अपरिपक्व बताते हुए कहा था कि जब तक उनके हाथ कांग्रेस की बागडोर है, कांग्रेस का भला नहीं हो सकेगा। वहीं पीके ने भी राहुल को आइना दिखाते हुए कहा था कि उनके कार्यकाल में पार्टी 90 फीसदी चुनाव हारी है। लगातार हार रही है कांग्रेस भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने 2018 में बनाई सरकार बनाई थी। लेकिन इसे नाथ संभाल नहीं पाए, 18 महीने बाद ये सरकार गिर गई। इसके बाद 28 उपचुनाव, नगरीय निकाय और जनपद हर चुनाव में कांग्रेस हारी ही है। ऐसे में एक टेस्ट तो नाथ का भी होना चाहिए। जिससे उनके कामकाज का आंकलन किया जा सके। ये है पूरा मामला कांग्रेस के मध्य प्रदेश चीफ कमल नाथ ने हाल ही में पीसीसी में कांग्रेस की प्रदेश मीडिया कमेटी का एक एग्जाम कंडक्ट किया था। इस एग्जाम में लगभग सभी पदाधिकारी फेल हो गए थे, एक पदाधिकारी को जीरो मार्क्स भी दिए गए। डॉ. केसवानी ने कहा कि इस तरह के एग्जाम केवल मनोबल को गिराने का ही काम करते हैं। इस कमेटी की जिम्मेदारी पार्टी के ऑफिशियल बयान मीडिया और सोशल मीडिया के माध्यम से आम लोगों तक पहुंचाना है।   डॉ. दुर्गेश केसवानी ,बीजेपी प्रवक्ता 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 July 2022

अब हर वर्ष मनाया जायेगा अटेर उत्सव

  ऐतिहासिक, पुरातात्विक ,सांस्कृतिक विरासत से जुड़े  नई पीढ़ी    सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया ने कहा है कि अब हर वर्ष अटेर उत्सव मनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार ओरछा उत्सव और अन्य उत्सव का आयोजन किया जाता है, उसी प्रकार संस्कृति विभाग द्वारा अटेर उत्सव का प्रतिवर्ष आयोजन होगा। इस वर्ष अटेर में 27-28 नवम्बर को अटेर उत्सव का आयोजन किया जा रहा है। यह बातें सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया ने भिण्ड में मीडिया प्रतिनिधियों से अनौपचारिक चर्चा के दौरान कहीं। सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया ने कहा कि मुख्यमंत्री माननीय श्री शिवराज सिंह चौहान जी और पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री माननीय सुश्री उषा ठाकुर जी ने अटेर उत्सव आयोजन के उनके आग्रह को स्वीकार किया। इसके लिये वह क्षेत्र की जनता की ओर से उनका ह्रदय से आभार व्यक्त करते हैं। उन्होंने कहा कि अटेर उत्सव आयोजन के लिये उनके द्वारा पिछले वर्षों से पहल की जा रही थी। सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया ने कहा कि अटेर के ऐतिहासिक, पुरातात्विक और सांस्कृतिक विरासत से नई पीढ़ी को अवगत कराने के लिये अटेर उत्सव में विभिन्न प्रकार की सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन किया जायेगा। भिण्ड जिले के अटेर की ऐतिहासिक, पुरातात्विक धरोहर के संरक्षण का कार्य भी होगा। अटेर उत्सव राज्य सरकार के सांस्कृतिक आयोजन के कैलेण्डर में सम्मिलित किया गया है।     डॉ. अरविंद भदौरिया  (सहकारिता मंत्री)

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 July 2022

तीन बहनों ने फंदा लगाकार की आत्महत्या

  पुलिस कर रही है पूरे मामले की जांच  मध्यप्रदेश के खंडवा में  तीन बालिग बहनों ने पेड़ पर फंदा लगाकर फांसी लगा ली। मामला खंडवा के ग्राम भानगढ़ के निकट कोटा घाट का है। आदिवासी फल्या में रहने वाली थी तीनो बहने।  घटना मंगलवार रात 11 बजे के बाद की बताई जा रही है। सूचना मिलने पर पुलिस  घटनास्थल पर पहुंची। परिवार वालों ने  इनके खुदकुशी करने की कोई वजह नहीं बताई है । इनमें दो बहने खंडवा एसएन कालेज की छात्रा थीं। इनके नाम सोनू उम्र 22 वर्ष, सावित्री उम्र 21 वर्ष और ललिता उम्र 19 वर्ष पुत्री जामसिंह बताए गए हैं। इनके पिता का पहले ही निधन हो चुका था। जावर थाना प्रभारी शिव राम जाट ने बताया कि मामला पारिवारिक औऱ आपसी संबंधों का हो सकता है। जान देने वाली तीन बहनों में एक का विवाहित थी, वह 2 दिन पहले ही मायके आई थी। फिलहाल पुलिस ने तीनों शवों को मर्ग कायम कर लिया है।  शवों को जिला अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। घटनास्थल पर फिलहाल कोई भी सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 July 2022

बारिश में भोपाल में पानी का कोटा पूरा

बारिश के चलते भदभदा ,कलियासोत डैम खुले    मध्यप्रदेश में भारी बारिश का दौर जारी है। भोपाल की बात करें तो भोपाल में  अगले 24 घंटे तक तेज बारिश होने का पूर्वानुमान है। भोपाल में अब तक कोटे से दो गुना बारिश हुई है। करीब 32 इंच बारिश हो चुकी है।  भोपाल का  16 इंच पानी गिरने का कोटा था। मौसम विभाग के अनुसार भोपाल के अलावा सीहोर, रायसेन, राजगढ़ और विदिशा में बारिश अभी होगी। वहीं भारी बारिश की वजह से भदभदा, कलियासोत और कोलार तक के गेट खोलने पड़ गए। भदभदा डैम के सभी 11 गेट खोलने पड़े। अभी भी दो गेट खुले हुए हैं। भदभदा से छोड़ा गया पानी कलियासोत डैम में पहुंचा। इसके भी सभी 13 गेट खोल दिए गए। केरवा डैम का फुल टैंक लेवल 1673 फीट है। अब तक  डैम 1669.29 तक भर चुका है, यानी फुल भराने में डैम अभी भी साढ़े 3 फीट तक खाली है। इतना पानी आने के बाद ही डैम के गेट ऑटोमेटिक खुल जाएंगे। आपको बता दें सीहोर में लगातार तेज बारिश हो रही है। जिससे  कोलांश नदी के साथ बड़ा तालाब भर गया।  बड़ा तालाब का फुल टैंक लेवल 1666.80 फीट है। जो की  फुल हो चुका है। तीन दिन पहले भदभदा के गेट खोले गए। वहीं मध्यप्रदेश के कई जिलों में अभी अच्छी बारिश नहीं हुई है। रीवा , सतना के साथ कई जिलों में कम बारिश हुई है।  जो की चिंता का कारण बना हुआ है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 July 2022

EOW करेगा कलियासोत ब्रिज धसने की जांच

  ब्रिज के डिजाइन पर सवाल , कंपनी ने कहा नहीं था गलत  मंडीदीप में कलियासोत ब्रिज को बने साल भर ही हुए थे की उसकी रिटेनिंग वॉल और सड़क धंस गई। अब इसकी जांच के आदेश जारी हुए हैं।   जांच आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो  करेगा। ब्रिज बनाने वाले मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम (MPRDC) को नोटिस जारी करने की तैयारी में है EOW । ब्रिज के डिजाइन को लेकर सवाल उठाए गए थे।  और अगर डिजाइन गलत था तो इसको अप्रूवल कैसे मिला।  इंजीनियरों ने उस पर तब आपत्ति क्यों नहीं ली।  बिना देखे कंपनी को भुगतान क्यों किया गया।  आपको बता दें इसी CDS कंपनी के सिंगारचोली ब्रिज में खामियां मिली थीं। लेकि वहां भी इसकी अनदेखी की गई थी।  सवाल ये भी कि अगर डिजाइन गलत थी तो आगे का काम क्यों नहीं रोका गया।  जांच में EOW के इंजीनियर मौके पर जाकर काम की क्वालिटी परखेंगे। एग्रीमेंट की शर्तों के अनुरूप ब्रिज की जाँच की जाएगी। जांच की जाएगी कि कैसे 529 करोड़ का बना पुल एक ही बारिश में ढह गया।  वही अब CDS इंडिया के डिप्टी प्रोजेक्ट डायरेक्टर केएस धामी ने तर्क दिया कि डिजाइन में गलती नहीं थी। भदभदा डैम के एक साथ 13 गेट खोले जाने से पानी का बहाव ज्यादा हो गया। पानी नींव में चला गया और मिट्‌टी नम हो गई। इसी वजह से रिटेनिंग वॉल बह गई और सड़क धंस गई। लेकिन अगर यह सोच कर पुल का निर्माण नहीं किया गया था तो डिजाइन अप्रूव कैसे हुआ सवाल तो वही है। बहरहाल eow जांच के बाद कोई कार्रवाई करेगा। इस मामले में कांग्रेस ने बीजेपी सरकार और कंपनी पर सवाल खड़े किये हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 July 2022

मादक पदार्थों क तस्करी का मामला

  260 KG गांजा की खेप के साथ युवक गिरफ्तार    इंदौर नार्कोटिक्स कंटोल ब्यूरो  ने  260 किलोग्राम गांजा की खेप लेकर जा रहे तस्कर को पकड़ा।  एनसीबी अधिकारी के अनुसार गांजे की यह खेप उज्जैन से होकर ओडिशा जा रही थी। मिनी ट्रक के ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है। तस्कर उज्जैन से यह गांजा ट्रांसफार्मर में छुपाकर ला रहे थे। एनसीबी को मुखबिर से सूचना मिली थी कि एक मिनी ट्रक में गांजे की खेप जा रही है। जिसके बाद ट्रक की जांच की गई तो इसमें ट्रांसफार्मर में 260.350 किलोग्राम गांजा मिला। जब्त गांजे को भूरे रंग के टेप में लपेटा गया था। ड्राइवर से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि यह गांजा राजस्थान के कोटा से ओडिशा जा रहा था। वहीं पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।  आपको बता दें प्रदेश में मादक पदार्थों की तस्करी के मामले बढ़ते जा रहे हैं।  पुलिस लगातार इन पर कार्रवाई कर रही है।    इंदौर में हो रही बिजली गुल  वहीं इंदौर में बिजली की समस्या की ख़बरें आई हैं। पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के इंदौर दक्षिण शहर संभाग में बिजली लगातार गुल हो रही है। सोमवार देर रात यूनिवर्सिटी जोन के अंतर्गत बड़े हिस्से में रातभर बिजली गुल रही। इसके चलते खंडवा रोड क्षेत्र से लगी कालोनियां प्रभावित हुई। देर रात करीब साढ़े बारह बजे गुल हुई बिजली आपूर्ति सुबह पांच बजे बाद बहाल हो सकी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 July 2022

मप्र विधानसभा घूमने पहुंचा विदेशी प्रतिनिधि मंडल

  विधानसभा अध्यक्ष से की मुलाकात , कार्यवाही समझी    मध्यप्रदेश की विधानसभा में फिजी, जांबिया, ग्वाटोमाला, हुंडारूस, उरुग्वे और फ्रांस के 21 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल पहुंचा। जहां उन्होंने मध्य प्रदेश विधानसभा का भ्रमण किया। इस मौके पर  विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग और विधानसभा के प्रमुख सचिव अवधेश प्रताप सिंह से मुलाकात की। विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने उन्हें विधानसभा संचालन की प्रक्रिया और कोरोना महामारी के दौरान प्रदेश में किए गए कार्यों के बारे जानकारी दी । विधानसभा के प्रमुख सचिव ने बताया कि प्रतिनिधिमंडल को विधानसभा का सत्र  की पूरी प्रक्रिया की जानकारी दी गई। शिक्षा, स्वास्थ्य आदि विषयों पर प्रदेश में किए जा रहे कामों के बारे में बताया गया है। इसके साथ कोरोना महामारी के दौरान स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में भी सभी को बताया गया। वहीं महिलाओं और बच्चों के विकास के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी भी दी गई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 July 2022

अध्यक्ष-उपाध्यक्ष की जोड़ तोड़  में भाजपा और कांग्रेस

  313 जनपद पंचायत के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष का चुनाव    जिला और जनपद पंचायत अध्यक्ष-उपाध्यक्ष की जोड़ तोड़  में भाजपा और कांग्रेस जुट गई  हैं। प्रदेश की 313 जनपद पंचायत के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष का चुनाव दो चरण में 27 और 28 जुलाई को होना है। भाजपा का दावा है कि अधिकांश जनपद पंचायत में उसके समर्थक सदस्य निर्वाचित हुए हैं, इसलिए अध्यक्ष उनका ही बनेगा। वहीं, कांग्रेस भी अपने समर्थकों के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष बनने की बात कर रही है। 27 जुलाई से जिला और जनपद पंचायत अध्यक्ष-उपाध्यक्ष का चुनाव होना है।  भाजपा ने मंत्रियों को गृह और प्रभार के जिलों में अधिक से अधिक पार्टी समर्थक सदस्यों को अध्यक्ष-उपाध्यक्ष बनाने की जिम्मेदारी दी है।  जिलों में बैठकों का दौर  शुरू हो गया है। सागर में मंत्री गोपाल भार्गव, भूपेन्द्र सिंह और गोविन्द सिंह राजपूत ने सदस्यों के साथ बैठक की। वहीं, कांग्रेस के पूर्व मंत्रियों, विधायकों और पार्टी के वरिष्ठ नेता सदस्यों के बीच समाजस्य स्थापित करेंगे। जिला पंचायत के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष का चुनाव 29 जुलाई को कलेक्टर कराएंगे। इसके लिए निर्वाचित सदस्यों का सम्मेलन होगा। जिसमे बीजेपी कांग्रेस ने वरिष्ठ नेताओं को इसकी जिम्म्मेदारी दे दी है। कांग्रेस की ओर से पूर्व मंत्री, विधायक और वरिष्ठ नेता सदस्यों के बीच समन्वय बनाने का काम कर रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 July 2022

क्षतिग्रस्त सडकों को सुधारने का अभियान चलेगा

  लोक निर्माण विभाग ने मांगी कार्यपालन यंत्रियों से रिपोर्ट    भोपाल सहित अन्य संभागों में वर्षा के कारण सड़कें खराब हुई  हैं। भोपाल में सड़कों पर कई गड्ढे हो गए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव के निर्देश पर भोपाल शहर की क्षतिग्रस्त सड़कों को सुधारने के लिए सोमवार से विशेष अभियान चलेगा। सात दिवसीय इस अभियान के प्रभारी संचालन के लिए प्रत्येक सड़क के निए नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। विभाग के प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई ने बताया कि विशेष अभियान में राजधानी क्षेत्र की सभी सड़कों को शामिल किया जाएगा। लोक निर्माण विभाग ने सभी कार्यपालन यंत्रियों से  वर्षा से खराब हुई सड़कों की रिपोर्ट मांगी है। रिपोर्ट के आधार पर  सुधार कार्य की कार्ययोजना तैयार होगी।  मुख्य अभियंता संजय मस्के ने सभी कार्यपालन यंत्रियों से कहा है कि वे अपने क्षेत्र की सड़कों का निरीक्षण करें। जो सड़क क्षतिग्रस्त हुई है, उसकी रिपोर्ट तैयार कराएं। इसके आधार पर कार्ययोजना बनाई जाएगी।  विभाग के सचिव आरके मेहरा और प्रमुख अभियंता नरेन्द्र कुमार रिपोर्ट के आधार पर अधिकारियों के साथ बैठक करके सुधार कार्य की कार्ययोजना तैयार करेंगे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 July 2022

मंडीदीप जबलपुर भोपाल पुल धसका

  सीडीएस कंपनी ने बनाया था यह पुल भारी बरसात की वजह से भोपाल-जबलपुर हाइवे पर समरधा के पास बने कलियासोत पुल की एप्रोच रोड के शोल्डर का एक हिस्सा नदी में बह गया।कई दिनों तक पुल निर्माण के नाम पर जनता को परेशान करना। और फिर पुल बनते ही एक भी बारिश न झेल पाना पुल निर्माण कंपनी  के साथ  सरकार पर सवालिया निशान खड़ा करता है।  मध्यप्रदेश में पहली ही बारिश में सड़कों की पोल खुलती नजर आ रही है। पहली ही बारिश में 559 करोड़ से बना कलियासेत  पुल ढह गया।  सर्विस रोड का लंबा हिस्सा पानी के साथ बह गया। अब इसमें भ्रष्टाचार का मामला भी उठाने लगा है।  करीब 600 करोड़ से बना पुल एक बारिश कैसे नहीं झेल पाया।  प्रशासन ने बैरिकेडिंग करके ट्रैफिक डायवर्ड करा दिया है। आपको बता दें यह नवीन हाइवे इसी साल चालू हुआ था। इस हाइवे को सीडीएस कंपनी ने बनाया था। कंपनी पर हाइवे निर्माण के समय से ही घटिया निर्माण के आरोप लगते रहे थे।  फिलहाल मंडीदीप में  भोपाल-जबलपुर हाइवे क्षतिग्रस्त होने से आवाजाही प्रभावित हुई है। बताया जा रहा है कि  पांच दिन पहले ही इसमें दरारें आ गई थी। अधिकारियों ने एहतियात के तौर पर रविवार शाम को हाइवे पर एक तरफ का मार्ग बंद कर दिया गया था। बता दें कि रविवार को भोपाल में अधिक पानी गिरने और कलियासोत डेम भरने पर इसके 13 गेट खोल दिए गए थे। इससे कलियासोत नदी में पानी का दबाव बढ़ गया था। जानकारी के अनुसार 559 करोड़ रुपये से भोपाल-जबलपुर हाइवे बनाया गया है। पिछले वर्ष ही ही इसका शुभारंभ किया गया है। पहले से ही घटिया निर्माण के चलते पुल विवादों में रह चुका है, लेकिन तब अधिकारियों ने इसे अनसुना कर दिया था। लेकिन तेज बरसात ने इस पुल के निर्माण के दौश्रान हुए भ्रष्टाचार की पोल खोल कर रख दी। इसके निर्माण और मरम्मत का ठेका सीडीएस कंपनी को दिया गया है। बतादें कि इससे पहले भी संबंधित कंपनी पर पुल निर्माण में लापरवाही बरतने के आरोप लग चुके हैं। पुल का शोल्डर धंसकने से रविवार शाम से ही यह रास्ता बंद है। सावन सोमवार होने की वजह से अन्य दिनों की अपेक्षा इस सड़क पर ट्रैफिक बढ़ गया है। नर्मदापुरम में नर्मदा और सलकनपुर जाने वालों की भीड़ भी यहीं से निकल रही है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 July 2022

नुपुर शर्मा का समर्थन करने पर बैंक कर्मी से मारपीट

  सुलेमान ने बैंक कर्मी से की मारपीट , हाथ टूटा  नुपूर शर्मा का समर्थन करने की पर एक मारपीट का मामला सामने आया है। रीवा में एक बैंककर्मी के साथ मारपीट की गई है । जिसमे जांच जारी है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस की जांच कर रही है। पुलिस ने बताया कि  बैंककर्मी बकायादार से किस्त वसूलने गया था।  जहां उसकी अन्य व्यक्ति से बातों ही बातों में बहस हो गई। बहस इतनी बढ़ी की वो  मारपीट में बदल गई। जिसके  बाद मारपीट में बैंक कर्मी का हाथ टूट गया।  बैंक कर्मी का आरोप है कि वह नूपुर शर्मा को इंटरनेट मीडिया के जरिए समर्थन कर रहा था।  जिसके कारण उसके साथ मारपीट की गई है।  यह पूरा मामला बैकुंठपुर थाना क्षेत्र का है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रीवाअनिल सोनकर के मुताबिक़  बैंक कर्मी मुकेश तिवारी अपने ड्यूटी पर जा रहा था। फिरोज नामक व्यक्ति से इन्हें लोन का पैसा रिकवरी करना था। दोनों के बीच बात भी हुई थी। फिरोज ने उन्हें करीब 19400 रुपये दिया था। इसके बाद जब वह वहां से निकला तो सुलेमान खान ने उन्हें रोक लिया और बातचीत करने लगे। बताया कि मुकेश तिवारी सुलेमान के बड़े भाई के मित्र हैं। दोनों के बीच चर्चा होने लगी, मुकेश सुलेमान के बड़े भाई को पागल कह दिया। ऐसे में गुस्से में आकर सुलेमान ने डंडे से हाथ में वार कर दिया, जिससे मुकेश का बाया हाथ टूट गया, तो वहीं मुकेश का कहना था कि इन दिनों वह नूपुर शर्मा के समर्थन में इंटरनेट मीडिया के जरिए लाइक और सब्सक्राइब कर दिया करते थे। इसकी वजह से उसके साथ मारपीट की गई है। अब इस मामले में सायबर सेल की भी मदद ली जा रही है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 July 2022

नर्मदा इंदिरा सागर बांध के 12 गेट खुले

  डाउन स्ट्रीम में नर्मदा का जल स्तर बढ़ा    मध्यप्रदेश में भारी बारिश का दौर  जारी है। खंडवा में भी भारी बारिश हो रही है।  जिससे नदी नाले उफान पर हैं।  वहीं खंडवा जिले में नर्मदा इंदिरा सागर बांध  का जलस्तर 257.60 मीटर पहुंचने से सुबह करीब 9:30 बजे बांध के 12 गेट खोल दिए गए हैं। आधा आधा मीटर की ऊंचाई तक खोले गए गेट से नर्मदा में प्रति सेकंड 2004 क्यूमेक्स पानी छोड़ा जा रहा है। इससे बांध के डाउन स्ट्रीम में नर्मदा का जल स्तर बढ़ गया है। यहां से पानी ओंकारेश्वर बांध के जलाशय में पहुंचने से वहां से छोड़े जा रहे पानी की मात्रा भी बढ़ा दी गई है। ओंकारेश्वर बांध प्रबंधन के डीजीएम केएस पांडे ने बताया कि बर्षा के रूख को देखते हुए एतिहात बतौर गेट खोले गए हैं। डाउनस्ट्रीम के सभी जिला प्रशासन को इसकी सूचना दे दी गई है। लोगों और नाविकों को नर्मदा और बांध क्षेत्र से दूर रहने की ताकीद दी गई है।ही ओंकारेश्वर में नगर परिषद की ओर से लाउडस्पीकर पर लगातार लोगों को नर्मदा नदी के नजदीक नहीं जाने की चेतावनी दी जा रही है। 2022 में  पहली बार ओंकारेश्वर और इंदिरा सागर बांध के गेट खुले है। पिछली बार बारिश कम होने से इंदिरा सागर और ओंकारेश्वर बांध के गेट एक बार भी नहीं खुले थे।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 July 2022

त्रिदेव योजना बनी भाजपा की सफलता का प्राण तत्व

    त्रिदेव बूथ  भारतीय जनता पार्टी की रीढ़ की हड्डी हैं     बूथ अध्यक्ष, महामंत्री और बी.एल.ए भारतीय जनता पार्टी की रीढ़ की हड्डी हैं। सजग और उत्साहित त्रिदेव ने स्थानीय निकाय के चुनाव में भाजपा का परचम लहराया।   जब से जनसंघ की स्थापना हुई और भारतीय जनता पार्टी बनी, तभी से वह पूरे देश में एक मात्र ऐसी पार्टी है जो संगठन और विचारधारा के आधार पर चलती है। सभी पार्टियों का आप एक एक कर विश्लेषण कर लीजिए,  सभी नेताओं के आधार पर चलती हैं, घरानों के आधार पर चलती हैं और जातियों के आधार पर भी चलती हैं।  एक अकेली बीजेपी ऐसी पार्टी है,  जिसका प्राण तत्व है उसका संगठन और संगठन में भी उसका प्राण तत्व है बूथ कमेटी, बूथ के इंचार्ज। मध्यप्रदेश के सभी कार्यकर्ता नेता अभिनंदन के पात्र हैं जिन्होंने त्रिदेव योजना को जमीनी स्तर पर लागू करने का कार्य किया।   त्रिदेव बूथ के वह तीन कार्यकर्ता हैं जो भारतीय जनता पार्टी की रीढ़ की हड्डी हैं। अगर यह 3 कार्यकर्ता सजग हैं, उत्साहित हैं और अगर ये विजय का संकल्प लेते हैं तो कोई विजय को रोक नहीं सकता,  विजय हो के रहती है। भारतीय जनता पार्टी जब भी चुनाव के मैदान में जाती है तो सबसे पहले बूथ के कार्यकर्ताओं को जागरूक और संगठित करने का कार्य करती है। जबकि बाकी सभी पार्टियां जातियों और नेताओं के आधार पर चुनाव लड़ती है। इसलिए आज नगर निगम में भारतीय जनता पार्टी को 16 नगर निगम में से 9 नगर निगम भाजपा की विजयी हुई है।  76 नगर पालिका में 50 में भाजपा को स्पष्ट बहुमत है। (कुल 65) वही 255 नगर परिषद में से 185 में भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिला है, 46 में हमारी स्थिति अच्छी है। कुल (231).   वर्ष 2014 में 98 नगर पालिकाओं के चुनाव में भाजपा 54 सीटों पर विजयी हुई थी, कुल 55 प्रतिशत, इस वर्ष 76 नगर पालिकाओं के चुनाव में भाजपा 65 सीटों पर अपना अध्यक्ष बनाने जा रही है, जीत का प्रतिशत 85 प्रतिशत रहा है। वर्ष 2014 में 264 नगर परिषद के चुनाव में भाजपा 154 सीटों पर विजयी हुई थी। कुल 58 प्रतिशत, इस वर्ष 255 नगर परिषद के चुनाव में भाजपा 231 सीटों पर अपना अध्यक्ष बनाने जा रही है। जीत का प्रतिशत 90.58 प्रतिशत रहा है। कटनी, रायसेन, राजगढ, सागर, जबलपुर, सिवनी, देवास, सीहोर, नरसिंहपुर, रीवा, मुरैना इन जिलों की नगर परिषदों में भाजपा का प्रदर्शन लगभग शत प्रतिशत रहा है। विदिशा, छिंदवाडा, सीहोर, सागर, नर्मदापुरम, नरसिंहपुर इन पांच जिलों की नगर पालिकाओं में हम शत प्रतिशत जीते है। छिंदवाडा जिले की तीनों नगर पालिकाओं (अमरवाडा, चौरई और परासिया) में भाजपा जीती है। जबलपुर में 8 में से 6 नगर परिषद में भाजपा विजयी हुई है। मुरैना में 5 में से 4 नगर परिषद में भाजपा विजयी हुई है। रीवा में 12 में से 11 नगर परिषद में भाजपा विजयी हुई है। ग्वालियर में सभी 5 नगर परिषदों में कांग्रेस की अपेक्षा भाजपा का प्रदर्शन बेहतर है। कटनी में 3 नगर परिषद में से 3 में भाजपा विजयी हुई है। 16 नगर निगम के 884 वार्डों में से 491 वार्डो में भाजपा विजयी रही। 76 नगरपालिकाओं के 1795 वार्डों में से 975 वार्डों में भाजपा विजयी रही।  255 नगर परिषदों के 3828 वार्डों में 2002 वार्डो में भाजपा विजयी रही।     भारतीय जनता पार्टी पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेंस के आधार पर राजनीति को बदलना चाहती है, राजनीति में ऐसी कार्य संस्कृति बनाना चाहती है, जिसका आधार सरकार के काम हों और उसी को जन जन तक पहुंचाने का काम बीजेपी के संगठन में त्रिदेव और बूथ विस्तारक योजना के जमीनी कार्यकर्ताओं ने किया है,  जो राजनैतिक और सामाजिक तौर पर 365 दिन 24 घंटे जनता के बीच में रहकर सरकार की योजनाओं को अंतिम पंक्ति में बैठे हुए व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए सक्रिय रहते हैं। भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता हर बूथ पर, हर गांव पर, हर पहाड़ पर संघर्ष कर पार्टी और सरकार के कार्य को घर-घर पहुंचाने में सफल हुआ है।   यह सभी के लिए गौरव का क्षण है और भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता यह अनुभूति करता है इस सरकार ने सदैव उनकी भी सेवा की जिन्होंने वोट नहीं दिया। वैक्सीन उनको भी लगाई जिन्होंने वैक्सीन का समर्थन नहीं किया। यह मेरी सरकार का संस्कार है। नरेंद्र मोदी जी का नारा है सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास। हम सर्वे भवन्तु सुखिन: वाली पार्टी हैं। पूरे प्रदेश में इतनी बड़ी संख्या में पार्षदों का चुन कर आना बीजेपी की बूथ विस्तारक योजना, बूथ के कार्यकर्ताओं के परिश्रम और जनता ने जिस तरीके से सहयोग किया वह भारतीय जनता पार्टी के प्रति लोगों के विराट विश्वास को दर्शाता है।   नेहा बग्गा (लेखिका भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश प्रवक्ता हैं)

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 July 2022

भारत के लोकतंत्र का अनमोल रत्न होता है राष्ट्रपति का पद

  15वें राष्ट्रपति का चुनाव सफलतापूर्वक संपन्न    भारत के 15वें राष्ट्रपति का चुनाव सफलतापूर्वक संपन्न हुआ। श्रीमती द्रौपदी मुर्मू भारत की नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बनीं और वरिष्ठ नेता श्री यशवंत सिन्हा ने संसदीय गरिमा के अनुरूप चुनाव में भाग लिया। इस लेख में हम राष्ट्रपति चुनाव की राजनीति के बजाय भारत के राष्ट्रपति के पद के महत्व के बारे में चर्चा करेंगे। जब भारत का संविधान बन रहा था, तब इस बात पर बड़ी गंभीरता से विचार चल रहा था कि भारत में अमेरिका की तर्ज की राष्ट्रपति प्रणाली होनी चाहिए या ब्रिटेन की तर्ज वाली संसदीय यानी प्रधानमंत्री प्रणाली। संविधान सभा की स्थापना से पहले ही पंडित जवाहरलाल नेहरू ने विधि विशेषज्ञ और उस जमाने के प्रतिष्ठित न्यायाधीश श्री बी एन राऊ से आग्रह किया की वे भारत के लिए एक भविष्योन्मुखी और वर्तमान पर खरा उतरने वाले संविधान का निर्माण करें। बीएन राउ साहब दुनिया के अलग-अलग देशों में गए और वहां के संविधान और शासन प्रणाली का अध्ययन किया। उसके बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पंडित नेहरू, डॉ राजेंद्र प्रसाद, सरदार वल्लभभाई पटेल, मौलाना आजाद के साथ ही डॉक्टर भीमराव अंबेडकर आदि ने भारत की संसदीय प्रणाली के बारे में अपनी राय का निर्धारण किया। उस समय तक भारत में वर्तमान राष्ट्रपति के समकक्ष का पद गवर्नर जनरल का होता था। भारत के साथ आजाद हुए पाकिस्तान ने मोहम्मद अली जिन्ना को अपना पहला गवर्नर जनरल ही नियुक्त किया था। लेकिन भारत के लोगों ने तय किया कि भारत में कमोबेश ब्रिटेन की तर्ज का लोकतंत्र हो, जिसमें कैबिनेट सर्वोच्च हो और प्रधानमंत्री समान दर्जे के मंत्रियों के बीच पहला मंत्री बने। भारत में राष्ट्रपति का पद भी तय किया गया, जिसकी शक्तियां कुछ कुछ ब्रिटेन की महारानी की तरह होती है। लेकिन उसकी शक्तियां अमेरिका के राष्ट्रपति की तरह नहीं होती। अमेरिका का राष्ट्रपति एक सम्राट से थोड़ा कम और प्रधानमंत्री से कहीं अधिक शक्तिशाली होता है। क्योंकि भारत के राष्ट्रपति का पद ग्रेट ब्रिटेन के राजा या रानी की तरह का होता है तो उसमें कई बार ऐसा लगता है कि वह रबड़ स्टांप होता है। लेकिन ऐसा नहीं है। भारत के राष्ट्रपति को अपनी ज्यादातर जिम्मेदारियों का निर्वाह मंत्रिमंडल के परामर्श पर करना होता है, लेकिन उसके पास नीर क्षीर विवेक करने का पर्याप्त मौका भी होता है। इसकी प्रमुख वजह यह है कि वह जनता के द्वारा भले ही सीधे ना चुना गया हो लेकिन देश के विधायक और सांसद उसके लिए वोट डालते हैं। यानी राष्ट्रपति एकदम से बिना निर्वाचन के चुने जाने वाला व्यक्ति नहीं है। राष्ट्रपति से यह आशा की जाती है कि अगर लोकसभा लोकलुभावन फैसले लेने के दबाव में कोई कानून पास कर देती है और राज्यसभा के बुद्धिमान सदस्य भी उस पर अपनी मोहर लगा देते हैं तो उसके पास अधिकार है कि वह वापस संसद को उस कानून को एक बार फिर से देखने के लिए भेज सकें। भारत के राष्ट्रपति को शपथ दिलाने का काम प्रधानमंत्री या दूसरा कोई व्यक्ति नहीं करता बल्कि भारत के प्रधान न्यायाधीश करते हैं। भारत का राष्ट्रपति एक ऐसी सर्वोच्च संवैधानिक कचहरी है, जहां पर हर कोई अपनी फरियाद कर सकता है। आपने बहुत से ऐसे मामले देखे होंगे जब विपक्ष के नेता प्रतिनिधिमंडल लेकर प्रधानमंत्री या केंद्र सरकार के खिलाफ शिकायत करने राष्ट्रपति के पास जाते हैं। राष्ट्रपति इनमें से ज्यादातर मामलों में संबंधित शिकायत को गृह मंत्रालय के पास ही भेज देते हैं लेकिन राष्ट्रपति के पास शिकायत करने का नैतिक महत्व बहुत अधिक होता है। इस देश में हमने ऐसे भी उदाहरण देखे हैं जब डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद से लेकर प्रणव मुखर्जी तक राष्ट्रपति ने कई जगह संसद के कार्यकलाप की बहुत सटीक संवैधानिक आलोचना की है या उसके किए फैसलों पर आंख मूंद कर सहमति जताने से इनकार किया है। क्योंकि भारत के राष्ट्रपति की परिकल्पना बहुत हद तक ग्रेट ब्रिटेन के राजा की तरह होती है। और यह माना गया है कि राजा कोई गलती नहीं कर सकता। गलती ना करने के लिए यह जरूरी है कि व्यक्ति अपने हाथ से कोई काम ना करे। इसीलिए ब्रिटेन के राजा की तर्ज पर भारत का राष्ट्रपति भी स्वयं कोई काम नहीं करता, उसकी तरफ से मंत्रिगण ही सारे काम संपादित करते हैं।  इस हैसियत के कारण राष्ट्रपति भारत का प्रथम नागरिक होता है और उसके साथ लगभग वैसा ही सम्मान का व्यवहार किया जाता है, जैसा व्यवहार पुराने जमाने में राजाओं के साथ होता था। भारत में प्रधानमंत्री आवास बदलते रहे हैं, लेकिन राष्ट्रपति भवन आज तक वही है जो पहले राष्ट्रपति के लिए तय हुआ था। प्रधानमंत्रियों के कार्यकाल 5 साल से पहले भी खत्म हो जाते हैं, लेकिन राष्ट्रपति पूरे 5 साल तक अपने पद पर रहता है। भारत का राष्ट्रपति अगर किसी कार्यक्रम में जाता है तो वह निर्वाचित प्रधानमंत्री या अन्य किसी संसदीय व्यक्ति की तुलना में उसकी कुर्सी सबसे ऊपर होती है। वह भारतीय लोकतंत्र की गरिमा का जीवंत प्रतिमान है। इसीलिए हम सबको याद रखना चाहिए कि राष्ट्रपति का सम्मान देश के सम्मान के समकक्ष है। वह चुनाव में उतरने से पहले ही अपने सभी किस्म के राजनीतिक राग द्वेष और संबंधों को त्याग देता है। पूरे देश में उसी के पास सुप्रीम कोर्ट में सुनाए गए फैसले के बारे में भी पुनर्विचार करने का अधिकार होता है। यह पद सर्वोच्च नैतिकता और सर्वोच्च सम्मान की मांग करता है। क्योंकि अगर पहली चीज नहीं आई तो दूसरी चीज चाह कर भी नहीं दी जा सकती।  भारत के राष्ट्रपति के इन विशेषताओं और जिम्मेदारियों को हमें समझना चाहिए। और इन विशेषताओं के बहाने भारतीय लोकतंत्र की जटिलता और विकेंद्रीकृत स्वभाव को भी समझना चाहिए    (प्रवीण कक्कड़) 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 July 2022

राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग पर विपक्ष खामोश

  सत्ता पक्ष ने कमलनाथ , दिग्विजय पर साधा निशाना  राष्ट्रपति चुनाव में कांग्रेस के विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की।  वहीं अब क्रॉस वोटिंग को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ सहित सभी कांग्रेस के  नेताओं ने इस मुद्दे पर चुप्पी साध ली है। गृह मंत्री डा.नरोत्तम मिश्रा ने कमल नाथ के नेतृत्व पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह पहला अवसर नहीं है, जब पार्टी के विधायक ने अलग राह पकड़ी हो। अब तो उन्हें  इस्तीफा दे देना चाहिए। प्रदेश में 47 विधानसभा सीट अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित हैं और वर्ष 2018 के चुनाव में कांग्रेस को 30 सीटों पर सफलता मिली थी। पार्टी आदिवासी समुदाय को नाराज नहीं करना चाहती है, इसलिए सभी पदाधिकारियों से इस मामले में चुप रहने के लिए कहा गया है। हालांकि, पूर्व मंत्री मुकेश नायक ने मीडिया से चर्चा में क्रास वोटिंग को गंभीर बताते हुए ऐसा करने वाले विधायकों को चिन्हित करने की बात कही है।आपको बता दें राष्ट्रपति चुनाव में कांग्रेस समर्थित विपक्ष के प्रत्याशी यशवंत सिन्हा को  79 विधायकों के मत प्राप्त हुए। कांग्रेस के विधायकों की संख्या 96 है। इस प्रकार देखा जाए तो 17 विधायकों ने राजग के प्रत्याशी के पक्ष में मतदान किया। इसमें बड़वाह से विधायक सचिन बिरला ने मतदान के बाद स्पष्ट रूप से कहा था कि उन्होंने राजग प्रत्याशी के पक्ष में मतदान किया है। पार्टी के विधायक डा.हीरालाल अलावा सहित जनजातीय वर्ग के कुछ अन्य विधायकों ने भी द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी बनाए जाने का स्वागत किया था। पार्टी नेताओं का मानना है कि आदिवासी समुदाय के विधायकों ने मुर्मू के पक्ष में मतदान किया है। हालांकि, कोई भी इस मामले में खुलकर कुछ भी कहने के लिए तैयार नहीं है।  प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का आदिवासी विरोधी चेहरा सामने आ गया है। पूरे देश में लोग पार्टी लाइन से हटकर द्रौपदी मुर्मू का समर्थन कर रहे थे। वहीं, गृह मंत्री डा.नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस के विधायकों को कमल नाथ पर भरोसा नहीं है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 July 2022

खेल अधोसंरचना विकास के लिए 100 करोड़ रुपये स्वीकृत

  भोपाल में 15 करोड़ रुपये की लागत से बनेगा पांचवा हाकी मैदान   सरकार ने प्रदेश में खेल अधोसंरचना विकास के लिए 100 करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं। सरकार ने स्वीकृत की गई राशि में नरसिंहपुर, टिमरनी, हरदा, गंजबासौदा, नागौद, रायसेन, नारायणगढ़, आगर मालवा, बीना (सागर), बुधनी (सीहोर) में इनडोर हाल निर्माण के लिए 1 करोड़ 69 लाख रुपये प्रति स्थान के हिसाब से शामिल हैं। इसके अतिरिक्त इन सभी स्थानों पर उपकरणों के लिए 26 लाख रुपये (प्रति स्थान) स्वीकृत किए गए हैं।भोपाल में लगभग 15 करोड़ रुपये की लागत से पांचवा हाकी मैदान तैयार होने के साथ प्रदेश के अन्य जिलों में कई निर्माण कार्य और खेल उपकरण उपलब्ध करवाए जाएंगे। इसके अलावा छह स्थान गैरतगंज, जोबट, गंजबासौदा, नटेरन, नरयावली और पन्ना में आउटडोर स्टेडियम के लिए 1 करोड़ 37 लाख रुपये प्रति स्थान के हिसाब से स्वीकृत किए गए हैं। उपकरणों के लिए प्रति स्थान 26 लाख रुपये स्वीकृत किए गए हैं। इंटीग्रेटेड स्पोटर्स काम्प्लेक्स के निर्माण के लिए मुड़वारा (कटनी) के लिए नौ करोड़ 98 लाख रुपये, खजुराहो(छतरपुर) के लिए 10 करोड़ तथा मुरैना के लिए नौ करोड़ 82 लाख रुपये की स्वीकृति दी गई है। गोटेगांव (नरसिंहपुर) स्टेडियम में पवेलियन एवं मंच निर्माण के लिए दो करोड़ एक लाख रुपये, टीकमगढ़ में हाकी सिंथेटिक एस्टो टर्फ की स्थापना के लिए आठ करोड़ 45 लाख, सिवनी में हाकी सिंथेटिक एस्ट्रो टर्फ की पुनर्स्थापना के लिए चार करोड़ 59 लाख तथा इंडोर सिंथेटिक एथलेटिक्स ट्रेक और बाउंड्रीवाल निर्माण के लिए 10 करोड़ 17 लाख रुपये की स्वीकृति दी गई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 July 2022

सीबीएसई ने 10 वीं ,12 वी के रिजल्ट घोषित

  लड़कियों का प्रदर्शन लड़कों से बेहतर रहा     केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड  ने  शुक्रवार को 10वीं व 12वीं का परीक्षा परिणाम जारी कर दिया। 10वीं व 12वीं में लड़कियों का प्रदर्शन लड़कों से बेहतर रहा ।  बारहवीं में विज्ञान संकाय जीवविज्ञान ग्रुप की छात्रा सिद्धी गोठी 99.2 % लाकर शहर की टापर बनी है। उन्होंने कक्षा दसवीं में भी 98.8 प्रतिशत लाकर शहर में टॉप किया था। इस समय वे सेंट्रल यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट की तैयारी कर रही हैं। आगे वे साइकोलाजी विषय लेकर पढ़ाई करेंगी और वे मनोविज्ञानी बनाना चाहती हैं। साइकोलाजी का विषय चुनने के लिए वे अपने साइकोलाजी की शिक्षका से काफी प्रेरित रही हैं। भोपाल की विज्ञान समूह की 12वीं की छात्रा सिद्धि गोठी ने 99.2 प्रतिशत अंक हासिल शहर में अव्‍वल स्‍थान हासिल किया है। इसके बाद विज्ञान व कामर्स संकाय के दूसरे टापर बने हैं। वहीं कामर्स संकाय में छात्रा मेघना खडक्कर और विज्ञान संकाय के सागर पब्लिक स्कूल के छात्र सिदार्थ अमलावद 99 प्रतिशत अंक लाकर दूसरे टापर बनें। वहीं 10वीं में  छात्रा मानसी पिल्लई 99.4 प्रतिशत शहर की टापर बनीं। शारदा विद्या मंदिर के छात्र यश आर्य सक्सेना 99.2 प्रतिशत और डीपीएस कोलर की छात्रा सान्वी राय 99.2 प्रतिशत लाकर दूसरे स्थान पर रहीं। छात्रा मानसी पिल्लई 99.4 प्रतिशत लाकर शहर की टापर बनी हैं। मानसी के पापा सतीश पिल्लई एक मल्टीनेशनल कंपनी में अफसर हैं, जबकि मां डा. मुक्तेश पिल्लई भेल स्थित एक निजी स्कूल में शिक्षक हैं।  मानसी का सपना अंतरिक्ष विज्ञानी बनाना है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 July 2022

कटनी से निर्दलीय प्रत्याशी प्रीति सूरी बनी महापौर

  नहीं जुड़ेंगी किसी पार्टी से , कटनी का होगा विकास  नगरीय निकाय चुनाव के परिणाम के बाद बीजेपी , कांग्रेस और आप में ख़ुशी का माहौल  है। बीजेपी के 9 महापौर , कांग्रेस के पांच और एक एक आप निर्दलीय को जीत मिली हैं।  वहीं कटनी का मुकाबला रोचक रहा।  नगरी निकाय चुनाव के द्वितीय एवं अंतिम चरण गणों के मतगणना के दौरान कटनी में बीजेपी और निर्दलीय प्रत्याशियों में प्रतिबंध मचा हुआ था जहां पर निर्दलीय प्रत्याशी प्रीति संजीव सूरी अपने भाजपा प्रत्याशी प्रतिद्वंदी ज्योति दीक्षित कों हारते हुए  5287 मतों से विजय श्री प्राप्त करते हुए कटनी नगर निगम के महापौर का ताज अपने नाम किया है। आठवें और फाईनल राउंड में राउंड की मतगणना के दौरान बीजेपी की ज्योति दीक्षित को 40361 मत प्राप्त हुए वही निर्दलीय प्रत्याशियों प्रीति संजीव सूरी कों 45648 मत प्राप्त हुए जिसके आधार पर निर्दलीय प्रत्याशियों प्रीति संजीव सूरी नें  5287 मतों से विजय प्राप्त की है।  इस मौके प्रीति सूरी ने कहा वे अभी किसी भी पार्टी से नहीं जुड़ेंगी।  फिलहाल वे भविष्य इसके बारे में सोचेंगी।  उन्होंने कहा जनता का उन्हें भरपूर्ण प्यार और आशीर्वाद मिला।  वे कटनी का हर कोशिश विकास करेंगी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 July 2022

प्रदेश में फिर बढ़ा कोरोना संक्रमण

  कलेक्टर अविनाश लवानिया संक्रमित  मध्यप्रदेश में एक बार फिर कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने लगी है।  प्रदेश में कोरोना  के 216 नए मरीज मिले हैं।  स्‍वास्‍थ्‍य विभाग द्वारा जारी 7592 सैंपलों की जांच रिपोर्ट में इतने मरीज मिलने की पुष्‍टि हुई है। संक्रमण दर 2.84 फीसदी रही। विगत एक मार्च के बाद पहली बार रोज मिलने वाले कोरोना मरीजों का आंकड़ा 200 के पार हुआ है। प्रदेश में इन दिनों कोरोना के जितने भी मरीज मिल रहे हैं उनमें से 50% से ज्यादा सिर्फ इंदौर और भोपाल के होते हैं। इंदौर में तो संक्रमण दर 20% के करीब पहुंच रही है। 216 मरीजों में से 90 मरीज इंदौर और 47 भोपाल में मिले हैं। भोपाल के कलेक्‍टर अविनाश लवानिया भी कोविड-19 से संक्रमित हो गए हैं। उन्‍होंने स्‍वयं इस बात की पुष्‍टि करते हुए अपने संपर्क में आए लोगों से भी जांच कराने की अपील की है। कलेक्‍टर लवानिया ने कहा कि स्वास्थ्य गड़बड़ लग रहा था। हेल्थ चेकअप के साथ कोरोना जांच करवाई तो रिपोर्ट पाजिटिव आई। प्रदेश में 178 मरीज कोरोना संक्रमण से उबरने में कामयाब रहे। नए मरीजों के साथ ही प्रदेश में अब कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या 1283 हो गई है। नए रोगियों में 155 को दोनों और दो को कोरोनारोधी टीका की सिर्फ एक डोज लगी थी। अधिकारियों ने बताया कि सक्रिय मरीजों में से 31 रोगी अस्पतालों में भर्ती हैं। बाकी होम आइसोलेशन में हैं। प्रदेश के 52 जिलों में से मंगलवार को सिर्फ 44 जिलों में ही कोरोना की जांच की गई। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 July 2022

23 और 24 जुलाई को यूथ महापंचायत होगी

  सीएम शिवराज ने किया युवाओं को सम्बोधित  प्रदेश के जिलों में 23 और 24 जुलाई को यूथ महापंचायत होगा।  चयनित प्रतिभागी भोपाल में होने वाली यूथ महापंचायत में शामिल होंगे। इसमें प्रतिभागियों के साथ शिक्षा, उद्यमिता, कला, संस्कृति, खेल, जनजाति कल्याण और अन्य क्षेत्रों में काम कर रहे युवा भी हिस्सा लेंगे। राजधानी के स्मार्ट पार्क में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद की जन्म-स्थली भाभरा के लिए यूथ महापंचायत की बाइक रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।  इस दौरान शिवराज ने युवा बाइकर्स को संबोधित करते हुए कहा कि मां भारती के लाल चंद्रशेखर आजाद ने अंग्रेजों से लोहा लिया  जब अंतिम गोली बची तो उसी से स्वयं को मारकर स्वयं को बलिदान कर दिया। अंग्रेजों ने भारत को आजादी चांदी की तश्तरी में रखकर भेंट नहीं की है।  इसके लिए हजारों क्रांतिकारी हंसते-हंसते फांसी के फंदों पर झूल गये थे। कई ने अपनी जवानी और जिंदगी अंडमान-निकोबार की जेल में कोल्हू और चक्की पीसते गुजार दी। अमर क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद जी को प्रणाम करके आज आप यूथ महापंचायत की बाइक रैली को प्रारंभ कर रहे हैं। आप गांव-गांव होते हुए भाभरा जायेंगे और वहां की पवित्र माटी लेकर वापस आयेंगे। उस पवित्र माटी को शौर्य स्मारक में रखा जायेगा और उस माटी को माथे पर लगाकर यूथ महापंचायत होगी। आपको इस रैली के पवित्र उद्देश्यों की सफलता के लिए शुभकामनाएं देता हूं। आयुक्त दीपक सिंह ने बताया कि स्वाधीनता के अमृत महोत्सव पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी चंद्रशेखर आजाद की 116वीं जन्म जयंती पर युवाओं में नेतृत्व का विकास करने की दिशा में शुक्रवार को जिला स्तर पर यूथ-पंचायत होगी। यूथ-पंचायत के लिए आनलाइन पंजीकरण से जिला स्तर पर सभी पंजीकृत प्रतिभागियों को प्राथमिक स्क्रीनिंग के लिए चयनित कालेज और विश्वविद्यालय में आमंत्रित किया जाएगा। स्क्रीनिंग द्वारा चयनित प्रतिभागियों को यूथ-पंचायत के लिए जिले के निर्धारित कार्यक्रम स्थल पर आमंत्रित किया जाएगा। आमंत्रित प्रतिभागी अपनी पात्रता का सत्यापन कराने के बाद ग्रुप डिस्कशन करेंगे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 July 2022

पूर्व सीएम कमलनाथ की मेहनत रंग लाई

  छिंदवाड़ा के साथ जीते 5 महापौर पद  पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ का गढ़ माना जाता है छिंदवाड़ा। जहां लगातार चुनाव में सफलता मिल रही है। महापौर और 11 निकाय में से अब 7 पर भी कांग्रेस का कब्जा हो गया। जिला पंचायत अध्यक्ष पद भी कांग्रेस जीतने की तैयारी में है। यही वजह है जिले को भाजपा मुक्त प्रचारित किया जा रहा है, कमल नाथ का छिंदवाड़ा मॉडल भी जीत की वजह बताया जा रहा है। हाल ही में घोषित चुनवा परिणाम भी इसकी गवाही दे रहे है। 9 निकायों के परिणाम में 6 में कांग्रेस की परिषद बनने जा रही है। पिपला, लोधीखेड़ा, न्यूटन, चादामेटा, बड़कुही, चांद में कांग्रेस की परिषद बनने जा रही है। ये परिणाम भाजपा के लिए चिंताजनक है। हालांकि 25 साल बाद चौरई में भाजपा की वापसी हुई है।  बिछुआ, अमरवाड़ा नगर पालिका में पार्टी फिर से काबिज हुई है, परासिया में भी परिषद बनती नजर आ रही हैं जिसके कारण ये परिणाम पार्टी के लिए संतोष दे सकते है। छिंदवाड़ा नगर निगम में कांटे की टक्कर में कांग्रेस को जीत हासिल हुई है। आर्थिक संकट से जूझ रही छिंदवाड़ा की निकाय में सबकी उम्मीदों को पूरा करना भी बड़ी चुनौती है। चुंगी क्षतिपूर्ति के अलावा आय का कोई जरिया नहीं है। नए टैक्स का बोझ झेलने के लिए जनता तैयार नहीं है। कांग्रेस को भी इस चुनाव परिणाम से सबक लेने की जरूरत है। कमलनाथ की मेहनत रंग लाइ और उन्हें छिंदवाड़ा में जीत हासिल हुई।  इसके साथ ही रीवा , ग्वालियर , मुरैना , जबलपुर जीत हासिल की। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 July 2022

नगरीय निकाय चुनाव के दूसरे चरण के परिणाम

  दो भाजपा, दो कांग्रेस और एक पर निर्दलीय की जीत    मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव मतगणना के दूसरे चरण के परिणाम आ  चुके हैं। 5 नगर निगम में महापौर पद के लिए दो में भाजपा, दो में कांग्रेस और एक पर निर्दलीय ने जीत दर्ज की। मुरैना में कांग्रेस की शारदा सोलंकी, रीवा में कांग्रेस के अजय मिश्रा , रतलाम में भाजपा के प्रहलाद पटेल, देवास में भाजपा की गीता अग्रवाल, और कटनी में निर्दलीय प्रीति सूरी ने जीत दर्ज की। छिंदवाड़ा जिले के परासिया में सबसे रोचक मुकाबला हुआ।  यहां वार्ड नंबर 10 में कांग्रेस के गगन खंडूजा को भाजपा के अनुज पाटकर ने तीन वोटों से हराया। एआइएमआइएम के तीन पार्षद प्रत्याशी जीते खरगोन में जीते हैं।  6 निकायों में से 3 पर भाजपा और 2 पर कांग्रेस का कब्जा। खरगोन जिले में खरगोन, बड़वाह, सनावद नगर पालिका, करही, कसरावद व बिस्टान नगर परिषद में पार्षद पद की मतगणना हुई।  खरगोन शहर में 33 वार्डों में एक बार फिर भाजपा जीती है। यहां 19 पार्षद भाजपा के जीतकर आए हैं। वहीं कांग्रेस को महज चार सीटों पर सिमट गई। सात निर्दलीय प्रत्याशी जीते हैं। जबकि ओवेसी की पार्टी एआईएमआईएम के तीन प्रत्याशी भी चुनाव जीतने में सफल रहे। दंगों के बावजूद चुनाव में वोटों का धुव्रीकरण का खास असर नहीं हुआ। भाजपा ने चुनाव में एक भी मुस्लिम प्रत्याशी को टिकट नहीं दिया। पार्टी की यह रणनीति काम आई और चुनाव में पार्टी ने सर्वाधित सीटें जीती। देवास में भाजपा की गीता अग्रवाल ने दर्ज की जीत दर्ज की।  गीता अग्रवाल ने कांग्रेस की विनोदिनी व्यास को करीब 45 हजार वोटों से हराया। कटनी में निर्दलीय महापौर प्रत्याशी प्रीति सूरी की जीत। कटनी से भाजपा की ज्योति दीक्षित 40361को आठवें में राउंड में, निर्दलीय प्रत्याशी प्रीति संजीव सूरी को 45648 मत प्राप्त हुए हैं। 5287 मत से निर्दलीय प्रत्याशी प्रीति सूरी को विजयश्री हासिल हो गई है। रीवा में कांग्रेस के महापौर प्रत्याशी अजय मिश्रा जीते। रीवा महापौर पद के लिए तेरहवे और अंतिम चरण की गिनती पूरी कांग्रेस से महापौर प्रत्याशी अजय मिश्रा बाबा - कुल मत - 47987 भाजपा से महापौर प्रत्याशी प्रबोध व्यास - कुल मत -37709 .  उज्जैन जिले की दो नगन पालिका व दो नगर परिषद में भाजपा का कब्जा। छिंदवाड़ा में प्रतिष्ठा की लड़ाई में 3 वोट से जीते अनुज पाटकर।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 July 2022

खाद यूरिया को लेकर किसानों का प्रदर्शन

  किसान परेशान प्रदर्शन को मजबूर हुए  खाद यूरिया को न मिलने को लेकर किसान परेशान हैं। डिंडोरी जिले में डीएपी यूरिया खाद की कमी के चलते किसानों का विरोध प्रदर्शन तेज हो गया है। जिला मुख्यालय के मंडला बस स्टैंड के पास स्थित गोदाम से खाद न मिलने के चलते परेशान किसानों ने मुख्य मार्ग में चक्का जाम कर दिया। लगभग आधे घंटे से डिंडोरी से मंडला मार्ग बाधित है। किसान मुख्य मार्ग में बैठकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन कर रहे हैं।मंगलवार को गोरखपुर में भी खाद् न मिलने से किसान विरोध जता रहे हैं। जिले भर में पर्याप्त खाद न मिलने से किसानों का विरोध जारी है।बताया गया कि जिले में मांग की तुलना में डीएपी और यूरिया खाद की पर्याप्त आपूर्ति नहीं की जा रही है। बारिश के मौसम में बोवनी के साथ बोवनी हो चुकी फसलों के लिए खाद की आवश्यकता बढ़ गई है। ऐसे में खाद की मांग बढ़ने से किसान परेशान हो रहे हैं। आपको बता दें बोवनी का समय चल रहा है।  जिसकी वजह से खाद यूरिया को लेकर किसान परेशान है।  इसी के चलते किसान अब सड़कों पर उतर आये हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 July 2022

सुरक्षा कर्मी  ने रात में फांसी लगाकर ख़ुदकुशी की थी

  हरिओम के निक्की नाम के किन्‍नर से अनैतिक संबंध थे बैतूल के सारनी कस्‍बे में स्थित नर्सरी में तैनात सुरक्षा कर्मी हरिओम चौरे ने  रात में फांसी लगाकरख़ुदकुशी कर ली थी। पुलिस विवेचना में पता चला कि लाश निक्की नाम के किन्‍नर की है। जांच में सामने आया कि उसकी गला घोंटकर हत्या की गई है। जिस रस्सी से सुरक्षा कर्मी ने फांसी लगाई थी, उसी से निक्की का गला घोंटने के प्रमाण मिले हैं। थाना प्रभारी रत्नाकर हिंग्वे ने बताया कि जांच में यह तथ्य सामने आया है कि हरिओम के निक्की नाम के किन्‍नर से अनैतिक संबंध थे। निक्की नागपुर से अक्सर सारनी आता था। शुक्रवार रात में दोनों के बीच विवाद हुआ जिसके बाद निक्की ने अपने हाथ में स्वयं चोट पहुंचाकर डायल 100 को फोन कर दिया कि हरिओम ने उसके साथ मारपीट की है। निक्की ने अपना पता नही बताया और मोबाइल बन्द कर लिया। इससे डायल 100 की टीम कुछ नही कर पाई। सुबह हरिओम की लाश नर्सरी में फांसी के फंदे पर लटकी पाई गई। इससे यह कयास लगाया जा रहा था कि बदनामी के डर से उसने फांसी लगा ली। जब निक्की का तीन दिन पुराना शव मिला तो पूरी स्थिति सामने आ गई। बताया जा रहा है कि हरिओम के निक्की नामक व्यक्ति से अनैतिक संबंध की बात उजागर होने के कारण निक्की की हत्या गला घोटकर लाश को नर्सरी के पीछे फेंक दी होगी। जिस रस्सी से हरिओम ने फांसी लगाई थी, उसी रस्सी के टुकड़े से निक्की का गला घोटा गया है। पुलिस फिलहाल पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 July 2022

बीजेपी कांग्रेस आप निकाय चुनाव के परिणाम से खुश

  बीजेपी 7 ,कांग्रेस 3 ,आप 1 ने जनता का जताया आभार  मध्यप्रदेश नगरीय निकाय चुनाव के नतीजों से सभी पर्टयन खुश नजर आ रही हैं।  बीजेपी 7 महापौर बनाकर खुश है , कांग्रेस 3 महापौर में खुश है।  वहीं आप ने एक सीट लाकर ख़ुशी का इजहार किया है। मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सुबह एक बार फिर स्‍थानीय रहवासियों से चाय पर चर्चा की। उनका 'चाय पर चर्चा' का यह कार्यक्रम सुबह दस बजे 12 नंबर स्‍टाप स्‍थित उसी मल्‍टी परिसर में शुरू हुआ।  जहां उन्‍होंने नगरीय निकाय चुनाव प्रचार के दौरान एक पखवाड़ा पहल ऐसे ही जनसंवाद कार्यक्रम में पहुंचकर पार्टी के महापौर पर पार्षद प्रत्‍याशियों के लिए समर्थन मांगा था। सीएम ने नगरीय निकाय चुनाव में अपार जनसमर्थन के लिए जनता का आभार जताया। लोगों से संवाद किया । 'मामा की चाय अपनों के साथ ' नामक इस कार्यक्रम में मुख्‍यमंत्री शिवराज के अलावा नरेला विधायक व चिकित्‍सा शिक्षा मंत्री विश्‍वास सारंग, शहर की नवनिर्वाचित महापौर मालती राय और पूर्व महापौर आलोेक शर्मा, पार्टी के जिलाध्‍यक्ष सुमित पचौरी के साथ-साथ बड़ी संख्‍या में कार्यकर्ता उपस्‍थित रहे।शिवराज ने  जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि आपने चुनाव से पहले मल्टी में पेयजल की व्यवस्था की मांग की थी, उसकी व्यवस्था अति शीघ्र करने के मैं निर्देश दे रहा हूं। मुझे पता चला कि क्षेत्र में गुंडे-बदमाशों से नागरिक परेशान हैं, मैं पुलिस विभाग को निर्देश दे रहा हूं कि इन्हें पकड़ो, प्रकरण बनाओ और सही जगह पर पहुंचाओ। वहीं निकाय चुनाव के परिणाम को लेकर पीसीसी चीफ कमलनाथ ने जनता का आभार जताया है। कमलनाथ ने कहा ग्वालियर में 57 साल बाद कांग्रेस का आना यह बता रहा है की जनता बीजेपी से परेशान है। तीन नगरीय निकाय चुनाव में महापौर कांग्रेस की बनी।  कुछ निकायों में कांग्रेस बहुत कम वोटो से हारी।  ओवैसी की पार्टी ने कांग्रेस के बुरहानपुर में वोट काटे।  वहीं आम आदमी पार्टी मध्यप्रदेश में महापौर के जरिये इंट्री कर काफी उत्साहित नजर आई।  आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पंकज सिंह ने जनता का आभार जताया।  उन्होंने कहा आप पार्टी विधानसभा चुनाव भी दमखम के साथ लड़ेगी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 July 2022

निकाय चुनाव के परिणाम घोषित

  7 बीजेपी , 3 कांग्रेस , 1 आप पार्टी  निकाय चुनाव में पहले चरण के परिणाम घोषित हुए। इंदौर नगर निगम चुनाव इस बार बेहद रोचक रहे। भाजपा ने युवा चेहरे पर दांव लगाते हुए अतिरिक्त महाधिवक्ता पद से इस्तीफा दिलवाकर पुष्यमित्र भार्गव को अपना महापौर उम्मीदवार बनाया था। पार्टी की उम्मीदों पर खरे उतरते हुए भार्गव ने अच्छे अंतर से जीत दर्ज की है। इस चुनाव में पुष्यमित्र भार्गव का नारा था 'आपका मित्र...पुष्यमित्र।" शहर का 'मित्र" होने वाले इस पंच को उन्हें अब महापैार बनकर वास्तविक जीवन में प्रदर्शित भी करना होगा। इंदौर जैसे बड़े और सदैव चैतन्य रहने वाले शहर का मित्र बनना, इतना आसान काम नहीं है। अब इस नारे को अमलीजामा पहनाना ही भार्गव की सबसे बड़ी चुनौती होगी। शहर के साथ ही उन्हें अपनों और पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों का भी मित्र बनकर रहना होगा। युवा महापौर भार्गव के सामने चुनौतियां भी कम नहीं होगी। भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी मालती राय ने विभा पटेल को हरा दिया। मालती राय मेयर मैडम होगी।  देर ररत आये नतीजे में मालती राय की जीत हुई। उज्जैन में मतगणना के दौरान महापौर पद के लिए भाजपा के मुकेश टटवाल और कांग्रेस के महेश परमार के बीच कांटे का मुकाबला रहा। आखिर में भाजपा के मुकेश टटवाल ने 736 वोट से जीत दर्ज की। कांग्रेस के महापौर उम्मीदवार महेश परमार की मांग पर रिकाउंटिंग हुई। हालांकि बाद में इसकी अधिकृत घोषणा भी कर दी गई। सिंगरौली  पार्टी का प्रदेश में खाता खुल गया है।  आप पार्टी की रानी अग्रवाल की जीत हुई।  आप पहली बार चुनाव में उतरी थी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 July 2022

बड़ा हादसा, नदी में  सवारियों से भरी बस गिरी

बड़ा हादसा, नदी में सवारियों से भरी बस गिरी 13 लोगों की मौत , सीएम ने जताया दुःख , मुआवजे का ऐलान    मध्यप्रदेश के धार जिले के खलघाट में बड़ा हादसा हो गया है। यहां करीब 40 यात्रियों से भरी एक बस नर्मदा नदी में गिर गई है। जानकारी के अनुसार इंदौर से महाराष्ट्र की ओर जा रही यात्री बस खलघाट संजय सेतु पुल पर संतुलन बिगड़ने के कारण 25 फीट नीचे नदी में जा गिरी। फिलहाल 13  यात्रियों के शव बाहर निकाले जा चुके हैं। वहीं, घायलों को एंबुलेंस की मदद से धामनोद शासकीय अस्पताल भेजा गया है। मौके पर धामनोद पुलिस एवं खलटाका पुलिस मोर्चा संभाले हुए हैं बचाव के लिए गोताखोर लगे हुए हैं। NDRF की टीम भी राहत बचाव के लिए मौके पर पहुंची है। इंदौर कमिश्नर पवन कुमार शर्मा ने धार और खरगोन के कलेक्टर्स को घटना स्थल पर पहुंचने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सुबह खरगोन धार के बीच स्थित खलघाट में हुई बस दुर्घटना का संज्ञान लिया है। बस के खाई में गिर जाने की सूचना मिलते ही प्रशासन को शीघ्र पहुंचने के निर्देश दिए गए हैं। बस को क्रेन की मदद से निकाल लिया गया है। यात्रियों के रेस्क्यू का काम जारी है। जिला प्रशासन घटना स्थल पर है। मुख्यमंत्री ने एसडीआरएफ को भेजने के निर्देश दिए हैं, इसके अतिरिक्त आवश्यक संसाधन घटना स्थल पर भेजने और घायलों के समुचित इलाज की व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं। खरगोन, इंदौर जिला प्रशासन के साथ मुख्यमंत्री निरंतर संपर्क बनाए हुए हैं। वहीं, पूर्व सीएम कमलनाथ ने धार जिले के खलघाट में हुए हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए। सरकार व प्रशासन से युद्ध स्तर पर बचाव कार्य करने की मांग की और लोगों को जल्द राहत पहुँचाने की बात कही है। घटना में पीड़ित परिवार को चार चार लाख का मुआवजा देने की घोषणा की गई है।  हादसे में 13 लोगों की मौत हो गई।  मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और मैंने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बातचीत की है। उन्होंने वहां पर पूरा प्रशासन लगाया हुआ है: महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, मुंबई। मध्य प्रदेश सरकार ने मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये और महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे ने 10-10 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है। केंद्र सरकार प्रधानमंत्री राहत कोष से मृतकों के परिजनों को 2;2 लाख रुपये देगी। कुल 16 लाख रुपये का मुआवजा मृतकों के परिजनों को दिया जाएगा। मुंबई से महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री और भाजपा के विधायक गिरीश महाजन भी इंदौर आ रहे हैं। वे घटना स्थल खलघाट जाएंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 July 2022

निकाय चुनाव में कांग्रेस के प्रदर्शन पर पूर्व सीएम खुश

  कांग्रेस ने तीन महापौर सीट लाकर किया बेहतर प्रदर्शन  पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ  की नगरीय  निकाय चुनाव के प्रथम चरण के आज आये परिणामों पर मीडिया से चर्चा की। कमलनाथ ने कहा यदि बात करें वर्ष 1999 की तो हमारे पास नगर निगम की मात्र 2 सीट थी ,वर्ष 2004 में भी 2 सीटें थी , 2009 में 3 सीट थी। और वर्ष 2014-15 में हम शून्य पर थे , यह सबको पता है। यदि पार्षदों की बात करें तो पिछली बार हमारे कितने पार्षद थे और इस बार हमारे कितने पार्षद जीते हैं ,इसके आँकड़े भी सामने आ जाएँगे , इससे सच्चाई का पता चल जाएगा।हमने 11 सीटों में से 3 सीट जीती  हैं।उज्जैन में अभी तक विवाद चल रहा है ,सिंगरौली में आम आदमी पार्टी जीती है , भाजपा ने 7 सीटें जीती है। आज भाजपा किस बात का जश्न मना रही है ? जब उसकी इतनी करारी हार हुई तो फिर किस बात का जश्न वो मना रहे हैं ,यह प्रश्न आज सभी के सामने है। हमने भाजपा से 3 सीट छिनी है , बुरहानपुर में हम 300-400 के करीब वोटों से हारे है ,उज्जैन में अभी विवाद चल रहा है और वहां भी हार-जीत 400-500 वोट की ही होगी। इस चुनाव में हमारा मुकाबला सिर्फ भाजपा से ही नहीं था बल्कि भाजपा के पैसे ,पुलिस व प्रशासन से भी था। मैं तो प्रदेश की जनता को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने भाजपा के  पैसे,पुलिस ,प्रशासन को नकार दिया। भाजपा ने खुलेआम पैसे,पुलिस , प्रशासन का नंगा नाच इन चुनावो में कराया। भाजपा जहां भी चुनाव जीती है वो पुलिस , पैसे और प्रशासन के दम पर ही जीती है। 15 माह बाद प्रदेश में  विधानसभा चुनाव है।मुझे पूरा विश्वास है कि जिस प्रकार जनता ने पंचायत चुनाव में हमारा समर्थन किया है , नगरीय निकाय के चुनाव में हमारा समर्थन किया , वैसा ही समर्थन हमें विधानसभा चुनाव में भी मिलेगा।भाजपा झूठे आंकड़े परोस रही है।वह जनमत को खरीदना चाहती है , ख़रीद-फ़रोख़्त से कुछ होने वाला नहीं है।वो जो दबाव-प्रभाव की राजनीति कर रही हैं , उससे कुछ होने वाला नहीं है। मतदाताओं ने इन चुनावों में अपनी मंशा बता दी है , उनकी अंतरात्मा की आवाज़ उन्होंने बता दी है। कितने उदाहरण सामने है डराने-दबाने के , खरीदने के लेकिन विधानसभा चुनावो में सारी सच्चाई सामने आ जायेगी। मुझे इन परिणामों से बड़ी खुशी है , मैं तो प्रदेश के मतदाताओं का आभार मानता हूँ और कांग्रेस जनों को भी बधाई देता हूं कि उन्होंने भाजपा से ही नहीं अपितु भाजपा के पैसे ,पुलिस ,प्रशासन से भी मुकाबला किया। सवालों के जवाब में कमलनाथ ने कहा आम आदमी पार्टी 1 सीट जीती है सिंगरौली की लेकिन उनके पार्षद सिर्फ 3 ही जीते हैं। बुरहानपुर में हम ओवैसी की पार्टी के कारण हारे है। ओवैसी की पार्टी भाजपा की बी टीम बनकर काम करती है , यह सच्चाई सबके सामने है।इन चुनावों में इस बात का भी खुलासा हो गया कि ओवैसी की पार्टी आज किसके साथ खड़ी है और कहां खड़ी है ? ग्वालियर क्षेत्र में हमारे पार्षद बड़ी संख्या में जीते है और हमारी महापौर प्रत्याशी भी अच्छे मतों से जीती हैं।हम 50 साल बाद यहाँ से जीते हैं , यह भी एक इतिहास बना है। छिंदवाड़ा में जनपद हम जीते है , ज़िला पंचायत के सदस्य हमारे ज्यादा जीते है , नगर निगम हम जीते हैं , पार्षद हमारे ज़्यादा जीते है। मैं तो छिंदवाड़ा की जनता को धन्यवाद देता हूं कि मैं वहाँ प्रचार के लिये मात्र डेढ़ दिन गया और मेरी अनुपस्थिति के बावजूद छिंदवाड़ा की जनता ने मुझे इतना प्यार और स्नेह दिया है। करीब 20 साल बाद हम छिंदवाड़ा जीते हैं। पूरे परिणाम आने दीजिये।परिणामों का तुलनात्मक अध्ययन करियेगा कि पहले कितने वार्ड भाजपा के पास थे और कांग्रेस के पास कितने थे और अब कितने है। इंदौर ,भोपाल में हार का हम अध्ययन करेंगे , हमने बेहतर प्रत्याशी देने का पूरा प्रयास किया था।परिणाम पूरे आने पर स्पष्ट होगा कि हमारे यहां पार्षद बढ रहे हैं। सत्ताधारी दल को हमेशा फायदा मिलता है।भाजपा ने डराने-दबाने का काम इन चुनावों में जमकर किया। अभी आप देखिए उज्जैन में भाजपा क्या कर रही है ?  हर चुनाव का अपना महत्व होता है।जनपद में ,जिला पंचायत में हम कितना जीते हैं ,उसके आंकड़े सामने हैं। मैं इन परिणामों से उत्साहित हूं।मैं तो प्रदेश की जनता का और कांग्रेस जनों का धन्यवाद देता हूं। उसके बाद कमलनाथ जी ने सभी का मुंह मीठा कराकर इस जीत पर सभी को बधाई दी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 July 2022

35 वर्षीय इंदू उर्फ गुडि़या साहू ने खुदकुशी की

  पति ने तालाब में छलांग लगाकर की ख़ुदकुशी    छोला मंदिर थाना इलाके के शिवनगर में रहने वाली 35 वर्षीय इंदू उर्फ गुडि़या साहू ने  खुदकुशी कर ली थी।तलैया थाना पुलिस के मुताबिक शनिवार सुबह आठ बजे बड़े तालाब में राजा भोज की प्रतिमा के पास किसी युवक द्वारा तालाब में छलांग लगाने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने गोताखोरों की मदद से तलाश कराई, तो युवक का शव बरामद हो गया। मृतक की पहचान शिवनगर, छोला निवासी 45 वर्षीय सुभाष पुत्र इमरत साहू के रूप में हुई। सुभाष की पत्नी इंदू साहू ने भी गुरुवार सुबह घर में फांसी लगा ली थी। प्रारंभिक जांच में पुलिस को पता चला कि पत्नी की मौत के बाद से ही सुभाष काफी तनाव में चल रहा था। वह सुबह करीब आठ बजे घर में बिना किसी को कुछ बताए बाइक लेकर निकल गया था। उसके जाने के बाद उसका भाई संजय उसे खोजते हुए वीआइपी रोड पहुंचा। वहां राजा भोज की प्रतिमा के पास उसे सुभाष की बाइक खड़ी मिल गई। उसने आसपास के लोगों से बाइक लेकर आए व्यक्ति के बारे में पूछताछ की तो पता चला कि बाइक खड़ी करने के बाद एक युवक तालाब में कूद गया था। शनिवार सुबह उसके पति सुभाष साहू ने बड़े तालाब में कूदकर जान दे दी। इंदु सरकारी स्कूल में अतिथि शिक्षक थी, जबकि सुभाष संगीत का शिक्षक था। इंदू की मौत के बाद उसके भाई प्रदीप ने सुभाष और उसके परिवार के लोगों पर बहन की हत्या करने का आरोप लगाया था। हालांकि प्रारंभिक जांच में पुलिस को पता चला था कि शादी के तीन साल बाद भी इंदू को कोई संतान नहीं हुई थी। इस वजह से वह तनाव में रहती थी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 July 2022

मतगणना की सीसीटीवी पर प्रसारण की अनुमति

  कांग्रेस ने की थी सीधा प्रसारण की मांग  राज्य निर्वाचन कार्यालय के द्वारा सीसीटीवी पर प्रसारण की अनुमति नहीं दिए जाने का कांग्रेस ने विरोध करते हुए आज धरना देने का ऐलान किया था। इस मामले में अब राज्य निर्वाचन कार्यालय के द्वारा अनुमति दे दी गई है।राज्य निर्वाचन कार्यालय ने  इंदौर में  नगर निगम के चुनाव के लिए मतगणना के दौरान ईवीएम मशीनों की सीसीटीवी के माध्यम से बड़ी स्क्रीन पर सीधा प्रसारण करने की अनुमति दे दी है।  इंदौर शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विनय बाकलीवाल एवं इंदौर के महापौर प्रत्याशी संजय शुक्ला के द्वारा कल नेहरू मतगणना स्थल नेहरू स्टेडियम पर इस मांग को प्रमुखता के साथ उठाया गया था। इसके लिए कांग्रेस ने राज्य निर्वाचन कार्यालय तथा इंदौर के जिला प्रशासन के अधिकारियों को धन्यवाद दिया है। इसके साथ ही आज होने वाला कांग्रेस का धरना भी निरस्त कर दिया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 July 2022

 4.5  करोड़ लोगों को सतर्कता डोज लगाने का लक्ष्य

  राज्य सरकार ने नियमित टीकाकरण अभियान चलाएगी    मध्य प्रदेश में 4. 5  करोड़ लोगों को सतर्कता डोज लगाने का लक्ष्य है। शुक्रवार को पहले दिन सिर्फ 75 हजार लोगों ने ही सतर्कता डोज लगवाई है। 75 दिन में 18 साल से ऊपर के सभी को सतर्कता डोज लगाने का लक्ष्य रखा गया है।  राज्य सरकार ने नियमित टीकाकरण अभियान के साथ ही प्रदेश में छह महाअभियान चलाने का निर्णय भी लिया है। पहला महाअभियान 27 जुलाई का चलेगा। इसकी तैयारी अभी शुरू हो गई है। राज्य टीकाकण अधिकारी डा. संतोष शुक्ला ने बताया कि पिछले महाअभियानों में बड़ी सफलता मिली थी। इस बार भी जनसहयोग से एक दिन में 10 लाख से ज्यादा लोगों को सतर्कता डोज लगाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि 27 जुलाई, 3 अगस्त, 17 अगस्त, 31 अगस्त और 28 सितंबर को महाअभियान होगा। हालांकि, टीकाकरण अभियान 30 सितंबर तक चलेगा। इसके बाद भी ज्यादा लोग बचे रह गए तो बाद में भी अभियान चलता रहेगा। उन्होंने बताया कि लोगों की सुविधा के लिए इस बार छोटे-छोटे अस्पतालों को भी केंद्र बनाया है। इनमें संजीवनी क्लीनिक और शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भी शामिल हैं। सतर्कता डोज लगवाने के लिए जरूरी है कि दूसरी डोज छह महीने  पहले लग चुकी हो। जिस वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगी है वही सतर्कता डोज में भी लगाई जाएगी।  सतर्कता डोज अभियान का शुभारंभ 21 जुलाई से होगा। अभी आचार संहिता के चलते यह नहीं हो पा रहा है। सभी को सतर्कता डोज लगवाने का प्रमाण पत्र भी दिया जा रहा है। जागरूक करने के लिए जिला स्तर से लेकर गांव तक आपदा प्रबंधन समूहों को सदस्यों का सहयोग लिया जाएगा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 July 2022

18 साल से अधिक उम्र वालों को कोरोनारोधी टीके

  भोपाल में करीब 18 लाख लोगों को लगेगी सतर्कता डोज    भोपाल में शुक्रवार से 75 केंद्रों में 18 साल से अधिक उम्र वालों को कोरोनारोधी टीके की  डोज लगाने की शुरुआत होगी। भोपाल में करीब 18 लाख लोगों को सतर्कता डोज लगाई जानी है। टीका एम्स, जेपी, हमीदिया, सरकारी आयुर्वेद, होम्योपैथी और यूनानी कालेज के अलावा गैस राहत अस्पताल में लगेगा । कोलार और गांधी नगर सीएचसी और अन्य पीएचससी में भी टीका लगाया जाएगा। सतर्कता डोज लगाने का अभियान 25 सितंबर तक चलेगा।  भोपाल में लगभग 19 लाख लोग 18 साल से ऊपर के हैं। जिसमे  एक लाख को सतर्कता डोज लग चुकी है। बाकी को इस अभियान में यह डोज लगाई जाएगी। उन्होंने बताया कि अभी जिले में 40 हजार डोज उपलब्ध हैं। इनमें कोवैक्सीन, कोविशील्ड और कार्बेवैक्स शामिल है। बताया जा रहा है  कि आनलाइन और आफलाइन दोनों तरह के हितग्राहियों को टीका लगाया जाएगा। हालांकि पहले दिन आनलाइन स्लाट कुछ केंद्रों के लिए ही शुरू हो पाया है। अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार से सभी केंद्रों के लिए आनलाइन पूरे समय करने की सुविधा रहेगी। आपको बता दे दोनों डोज लगवाने वाले 18 से 44 साल वाले हैं। 13 लाख 45 से 59 साल वाले हैं।  4 लाख 60 साल से ऊपर वाले  हैं।  भोपाल में सीएचसी. बैरसिया, पी.एच.सी. (नजीराबाद, रूनाहा, धमर्रा, गुनगा, ललरिया), सी.एच.सी. गांधीनगर, पी.एच.सी. (फंदा तूमडा, रातीबड़), इंटखेड़ी उप.स्व. कें. पिपलियाबाज खां, सी.आर.पी.एफ. बंगरसिया अस्पताल, सी.एच.सी. कोलार, पी.एच.सी. मिसरोद, एल. एन. नर्सिंग कॉलेज, शा.पं. खुशीलाल आयुर्वेद म.वि., शा. होम्योपैथी मेडी कॉलेज, शा. यूनानी मेडी. कॉलेज, सिविल अस्पताल बैरागढ, सिविल डिस्पेंसरी अहमदाबाद, सेवा सदन, मिलेट्री हास्पिटल, मिलेट्री योद्धा स्थल, हमीदिया हास्पिटल, इंदिरा गांधी चिकित्सालय गैस राहत सुल्तानिया जनाना चिकित्सालय, खान शाकिर अली चिकि गै.रा.. मास्टरलाल सिंह चिकि, गै.रा., बी.एम.एच.आर.सी. यूनिट -3, संजीवनी क्लीनिक कबाडखाना, लेडी भोर सेंटर, कमला नेहरू अस्पताल गै.रा.यू.पी.एच.सी. अशोका गार्डन, कैलाश नाथ काटजू चिकित्सालय, यू.पी.एच.सी. कोटरा सुल्तानाबाद, सिविल डिस्पेंसरी कमलानगर कोटरा सुल्तानाबाद, मुख्यमंत्री संजीवनी क्लीनिक नीलवड, सिविल डिस्पेंसरी 25 वी बटालियन, मुख्यमंत्री संजीवनी क्लीनिक बाणगंगा, सिविल डिस्पेंसरी प्रोफेसर कालोनी, प्रोतिमा मलिक पुलिस हास्पिटल, पल्मोनरी हास्पिटल जांहगीराबाद, सिविल डिस्पेंसरी. रूकमाबाई, आर.डी. मेमोरियल नर्सिंग कॉलेज नीलबड, सिविल डिस्पेंसरी 1100 क्वाटर, यू.पी. एस.सी. सांईबाबा, सि.डि. पंचशील नगर मुख्यमंत्री संजीवनी क्लीनिक बाबा नगर, मुख्यमंत्री संजीवनी क्लीनिक प्रियदर्शनी नगर, मुख्यमंत्री संजीवनी क्लीनिक लक्ष्मण नगर सिविल डिस्पेंसरी बागसेवनियां, यू.पी.एच.सी. बरखेड़ा पठानी सिविल डिस्पेंसरी पिपलानी. यू.पी.एच.सी. गुलाबी नगर एम्स, हबीबगंज रेल्वे डिस्पेंसरी, कस्तूरबा चिकित्सालय बी.एच.ई.एल. बी.ए.ई.एल. पिपलानी डिस्पेंसरी, बी.एच.ई.एल. गोविंदपुरा डिस्पेंसरी, केरियर नर्सिंग कॉलेज, सिविल डिस्पेंसरी आनंदनगर, ई.एस.आई. चिकित्सालय सोनागिरी, सि.डि. गोविंदपुरा, एम.पी.ई.बी. डिस्पेंसरी, मुख्यमंत्री संजीवनी क्लीनिक ओल्ड सुभाष नगर, यू.पी.एच.सी. खजूरीकलां, जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय गै.रा, यू.पी.एच.सी. कोलुआ, बी.एम.एच.आर.सी., पीपुल्स नर्सिंग कॉलेज, रेल्वे चिकित्सालय, मुख्यमंत्री संजीवनी क्लीनिक में लगेगा टीका। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 July 2022

आयुष्मान भारत योजना में फर्जीवाडा करने वालों की खैर नहीं

  स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की लगातार कार्रवाई जारी है    भोपाल में आयुष्मान भारत योजना में फर्जीवाडा करने वालों की अब खैर नहीं। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग लगातार फर्जीवाडा करने वाले अस्‍पतालों के खिलाफ  सख्‍ती बरत रहा है।  राजधानी भोपाल में एक और निजी अस्‍पताल के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी है। बताया जा रहा है कि  गुरु आशीष अस्पताल का नर्सिंग होम्स के रूप में लाइसेंस निरस्त हो सकता है । मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी  डा. प्रभाकर तिवारी ने अस्पताल को नोटिस देकर जवाब मांगा है। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर महीने भर के भीतर मान्यता ख़त्म हो सकती है। गौरतलब है की अस्पताल के संचालक डा. संदीप दुबे ने फर्जी नाम से दो मरीजों को अपने यहां भर्ती दिखाया था।  स्टेट हेल्थ एजेंसी के  द्वारा भेजे गए जांच दल को वहां पर एक भी मरीज नहीं मिला। इसके बाद स्टेट हेल्थ एजेंसी ने संबंधित अस्पताल पर गौतम नगर थाने में एफआइआर दर्ज कराई थी। इसके पहले वैष्णव अस्पताल के खिलाफ इसी तरह के मामले में एफआइआर के बाद उसकी मान्यता निरस्त की जा चुकी है। स्वस्थ्य विभाग लगातार फर्जीवाड़ा करने वाले अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई करने में जुटा  है।   आयुष्मान भारत योजना के तहत आगे भी अस्पताओं में कार्रवाई हो सकती है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 July 2022

सामाजिक परिवर्तन की संवाहक होंगी द्रौपदी मुर्मू

  कांग्रेस शासन के अंधे युग के अंत की घोषणा   भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने जनजातीय गौरव द्रौपदी मुर्मू को भारत के सर्वोच्च राष्ट्रपति पद के लिये प्रत्याशी घोषित कर न केवल समाज के सभी वर्गों के प्रति सम्मान के भाव को पुनः सिद्द किया है अपितु कांग्रेस शासन के उस अंधे युग के अंत की भी घोषणा भी कर दी है, जिसमें सम्मान और पद‌ अपने-अपने लोगों को पहचान कर बांटे जाते थे। भारतीय लोकतंत्र में यह पहली बार होगा जब कोई आदिवासी और वह भी महिला इस सर्वोच्च पद को सुशोभित करेगी। भारतीय जनता पार्टी की सोच हमेशा से ही भेदभाव रहित, समरस तथा समानतामूलक समाज की स्‍थापना की रही है। भाजपा को अपने शासन काल में तीन अवसर प्राप्त हुए और तीनों अवसरों पर उसने समाज के तीन अलग-अलग समुदायों से राष्ट्रपति का चयन किया। सर्वप्रथम अल्पसंख्यक वर्ग से महान वैज्ञानिक और कर्मयोगी डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम, फिर दलित समुदाय के माननीय श्री रामनाथ कोविंद जी और अब जनजातीय समुदाय से माननीया श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी। हमें यह कहते हुये प्रसन्‍नता है कि अभी हाल ही में सम्‍पन्‍न हुए राज्‍यसभा के लिए चुनाव में मध्‍यप्रदेश से हमने दो बहनों को राज्‍यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित किया है जिसमें वाल्‍मीकि समाज की बहन सुमित्रा वाल्‍मीकि भी हैं। भारतीय जनता पार्टी अद्वैत दर्शन के एकात्म मानववाद को मानती है, जिसमें कहा गया है - 'तत्‍वमसि' अर्थात् 'तू भी वही है'। पं. दीनद‌याल उपाध्याय का एकात्म मानव दर्शन भी अद्वैत पर ही आधारित है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का 'सबका साथ, सबका विकास' का संकल्प भी एकात्म मानववाद की भावना से ही निकला हुआ है। मोदी जी के नि‍र्णयों में उनकी दूरदृष्टि और संवेदनशीलता हर भारतीय को स्‍पष्‍ट महसूस होती है। मुझे याद आता है कि द्रौपदी मुर्मू जी को उड़ीसा विधानसभा में सर्वश्रेष्ठ विधायक के सम्मान से सम्‍मानित किया था और इस सम्मान का नाम था - नीलकंठ सम्मान। द्रौपदी मुर्मू समाज में सेवा का अमृत बांटती रही हैं। उड़ीसा के बैदापैसी आदिवासी गांव में जन्मीं द्रौपदी मुर्मू जी ने अपने जीवन में कठोरतम परीक्षायें दी हैं। उनके विवाह के कुछ वर्ष बाद ही पति का देहान्त हुआ और फिर दो पुत्र भी स्वर्गवासी हो गये। उन्‍होंने विपरीत आर्थिक परिस्थितियों में संघर्ष का मार्ग चुना और अपनी एक मात्र पुत्री के पालन पोषण के लिये शिक्षक और लिपिक जैसी नौकरियां कीं। उन्‍होंने कड़ी मेहनत से पुत्री को योग्य बनाया। जनसेवा की भावना से ओतप्रोत द्रौपदी जी ने रायरंगपुर नगर पंचायत में पार्षद का चुनाव जीत कर सक्रिय राजनीति की शुरूआत की। वे भाजपा के अनुसूचित जनजाति मोर्चा से जुड़ी रहीं और राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सदस्य भी रहीं। उड़ीसा में बीजू जनता दल एवं भाजपा की सरकार में मंत्री रहीं और 2015 में झारखण्ड की पहली महिला राज्यपाल बनीं। आदिवासी हितों की रक्षा के लिये वे इतनी प्रतिबद्ध रहीं कि तत्कालीन रघुवरदास सरकार के आदिवासियों की भूमि से संबंधित अध्यादेश पर इसलिये हस्ताक्षर नहीं किये क्‍योंकि उन्‍हें संदेह था कि इससे आदिवासियों का अहित हो सकता है। वे किसी भी प्रकार के दबाव के आगे नहीं झुकीं। यही कारण है कि उड़ीसा में लोग उन्‍हें आत्‍मबल, संघर्ष, न्‍याय तथा मूल्‍यों के प्रति समर्पित ऐसी सशक्‍त महिला के रूप में देखते हैं जिनसे समाज के लोग प्रेरणा लेते हैं।  भारतीय जनता पार्टी, प्राचीन भारत में महिलाओं, दलितों और आदिवासियों को जो गौरव और सम्‍मान प्राप्‍त था उसे पुनर्स्‍थापित करना चाहती है। विदेशी आक्रान्‍ताओं और स्‍वतंत्रता के पश्‍चात स्‍वार्थी राजनीतिक दलों ने इन वर्गों को सेवक या वोट बैंक बना दिया था, भाजपा उन्‍हें पुन: सामाजिक सम्‍मान और आत्‍मगौरव प्रदान करना चाहती है। हम चाहते हैं कि भारत में फिर अपाला, घोषा, लोपामुद्रा, गार्गी, मैत्रेयी जैसी महिलाओं के ऋषित्‍व की पूजा हो। मनुष्‍य का जन्‍म से नहीं, कर्म से मूल्‍यांकल हो, जैसे वाल्‍मीकि, कबीर या रैदास का होता रहा है। सामाजिक सोच और व्‍यवहार में महिलाओं, आदिवासी और दलितों को पर्याप्‍त सम्‍मान प्राप्‍त हो। इसी लक्ष्‍य को सामने रख कर श्री रामनाथ कोविंद या श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जैसे इन वर्गों के नेताओं को शीर्ष सम्‍मान देना भारतीय जनता पार्टी का उद्देश्‍य रहा है।  भारतीय जनता पार्टी सत्‍ता में केवल शासन करने के लिये नहीं है। हमारा उद्देश्‍य है कि भ्रमित हो चुकी सामाजिक सोच को सही दिशा दी जाये। हम भारतीय आदर्श जीवन मूल्यों को पुनर्स्‍थापित करने के लिये सत्‍ता में हैं। हम ऋग्‍वेद के इस मंत्र कि "ज्योति‍स्‍मत: पथोरक्ष धिया कृतान्" अर्थात् जिन ज्योतिर्मय (ज्ञान अथवा प्रकाश) मार्गों से हम श्रेष्ठ करने में समर्थ हों सकते हैं, उनकी रक्षा की जाये। हम सम भाव को शिरोधार्य करते हैं और ज्योतिर्मय मार्गों की रक्षा के लिये वचनबद्ध हैं। हम राजनीतिक आडम्बर के माध्‍यम से भोली और भावुक जनता को भ्रमित करने वाले लोगों से जनता को बचाने और उसे अंधेरे कूप से निकालने और गिरने वालों को रोकने के लिये प्रतिबद्ध हैं। हम जनता को वहां से बचाना चाहते हैं, जहां परिवारवाद का अजगर कुण्डली मार कर उनका शोषण करने को जीभ लपलपा रहा है। जहां लोकतंत्र का सामन्तीकरण हो गया है और ठेके पर राजनीतिक जागीरें दी जा रही थीं। अब वह समय चला गया जब चापलूसी करने वालों को सम्मानों और पुरस्कारों से अलंकृत किया जाता था। स्‍वामी विवेकानन्द का राष्ट्रोत्‍थान का आह्वान "उत्तिष्ठ जाग्रत प्राप्य वरन्निबोधत'' हमारे प्राणों में गूंजता है। हम इसे जन-जन की रक्‍त वाहिनियों में प्रवाहित होने वाले रक्त की ऊष्‍मा बना देना चाहते हैं।  भारतीय जनता पार्टी ने न केवल दलित, आदिवासी और महिलाओं को शीर्ष पद पर पहुंचा कर इन वर्गों का सम्मान किया है अपितु राष्ट्र के सर्वोच्च पद्‌द्म सम्मानों को भी ऐसे लोगो के बीच पहुचाया जो उनके सच्चे हकदार थे। मोदी जी ने अपनी दूरदृष्टि से वास्‍तविक लोगों को पहचाना। अब पद्म पुरस्कार राष्ट्र की संस्कृति, परंपरा और प्रगति के लिये महान कार्य करने वाले वास्तविक व्‍यक्तियों, तपस्वियों, साहित्यकारों, कलाकारों और वैज्ञानिकों को दिये जा रहे हैं। पिछले पद्‌म सम्मान समारोह में, 30 हज़ार से अधिक पौधे लगाने और जड़ी बूटियों के पारंपरिक ज्ञान को बांटने वाली कर्नाटक की 72 वर्षीय आदिवासी बहन तुलसी गौड़ा को दिया गया। उन्‍हें नंगे पांव पद्‌म पुरस्कार लेते देखकर किसका मन भावुक नहीं हुआ होगा? किसका मस्तक गर्व से ऊंचा नहीं हुआ होगा? हजारों लावारिस लाशों का अंतिम संस्कार करने वाले अयोध्या के भाई मोहम्मद शरीफ हों या फल बेच कर 150 रुपये प्रतिदिन कमा कर भी अपनी छोटी सी कमाई से एक प्रायमरी स्कूल बना देने वाले मंगलोर के भाई हरिकेला हजब्बा हों, क्या ये पहले कभी पद्म पुरस्कार पा सकते थे। आदिवासी किसान भाई महादेव कोली, जिन्‍होंने अपना पूरा जीवन देशी बीजों के संरक्षण एवं वितरण में लगा दिया, उन्‍होंने कभी पद्‌म पुरस्कार की कल्पना भी की होगी क्‍या ? जनजातीय परंपराओं को अपनी चित्रकारी में उकेरने वाली हमारे मध्य प्रदेश की बहन भूरी बाई हों या मधुबनी पेंटिंग कला को जीवित रखने वाली बिहार की बहन दुलारी देवी या कलारी पयट्टू नामक प्राचीन मार्शल आर्ट्स को देश में जीवित रखने वाले केरल के भाई शंकर नारायण मेनन या गांवों और झुग्‍गी बस्तियों में घूम-घूम कर सफाई का संदेश देने और सफाई करवाने वाले तमिलनाडु के भाई एस. दामोदरन, मध्‍यप्रदेश के बुन्‍देलखण्‍ड के श्रीराम सहाय पाण्‍डे इनमें से किसी के बारे में पहले हम लोग सोच भी नहीं सकते थे कि उन्हें पद्म सम्‍मान मिलेगा, किन्तु इन सभी भाई-बहनो को पद्म पुरस्‍कार मिले, क्योंकि यह भाजपा सरकार राष्ट्रवाद की जड़ों को सींचने वालों की पहचान करना और उन्हें सम्मानित करना अपना कर्तव्य समझती है। अब सम्मान मांगे नहीं जाते हैं अब सम्मान स्वयं योग्‍य लोगों तक पहुंचते हैं, ऐसे लोग जो उसे पाने के अधिकारी हैं, फिर चाहे वे कितने ही सुदूर क्षेत्र में गुमनाम जीवन ही क्‍यों न बिता रहे हों।   राष्ट्रपति का चुनाव हो अथवा पद्म पुरस्कारों का वितरण, मोदी जी की दूरदृष्टि, संवेदनशीलता उन्हें राजनीतिक समझौतों या स्वार्थों से बाहर निकालकर पवित्रता प्रदान करती है। भाजपा दलित, आदिवासी या महिलाओं को सम्‍मान देकर उन्‍हें उनके वास्तविक हकदारों तक पहुंचाकर समाज को जागृत करने और एक वैचारिक सामाजिक क्रांति करने का प्रयत्न कर रही है। जागृत जनता ही श्रेष्ठ राष्‍ट्र का, श्रेष्‍ठ भारत का निर्माण कर सकती है। ऐतरेय ब्राह्मण में सदियों पूर्व लिख दिया गया था- राष्‍ट्रवाणि वैविश: अर्थात् जनता ही राष्ट्र को बनाती है। द्रौपदी मुर्मू का राष्ट्रपति बनना भाजपा द्वारा समस्त आदिवासी और महिला समाज के भाल पर गौरव तिलक लगाने की तरह है। हमें अभी तक उपेक्षित और शोषित रहे वर्ग को समर्थ तथा सशक्त बनाना है। एक आदिवासी महिला का राष्ट्रपति बनना सामाजिक सोच को अंधकार से निकालकर प्रकाश में प्रवेश कराना है। मेरा दृढ़ विश्‍वास है कि राष्ट्रपति के रूप में द्रौपदी मुर्मू भारतीय सांस्कृतिक मूल्यों की संरक्षक और आदिवासी उत्थान की प्रणेता बनेंगीं।   शिवराज सिंह चौहान , मुख्यमंत्री मप्र   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 July 2022

अंतिम चरण का मतदान अंतिम पायदान पर

  नगरीय निकाय चुनाव को लेकर खासा उत्‍साह    निकाय चुनाव के दूसरे और अंतिम चरण का मतदान आज हो रहा है। भोपाल अंचल की बात करें तो आज दूसरे चरण में नगरपालिका परिषद बैरसिया, नरसिंहगढ़, सारंगपुर, रायसेन, बेगमगंज, मंडीदीप, आष्‍टा, सिरोंज, देवरी, बीना, नर्मदापुरम, पिपरिया में मतदान हो रहा है। इसी तरह नगर परिषद चुनाव के तहत सांची, गैरतगंज, औबेदुल्‍लागंज, सुलतानपुर, उदयपुरा, जावर, कोठरी, इछावर, नसरूल्‍लागंज, बुदनी, रेहटी, शाहगंज, कुरवाई, लटेरी, शमशाबाद, ईसागढ़, पिपरई, बंडा, शाहगढ़, राहतगढ़, मालथौन, बनखेड़ी, माखननगर, भैंसदेही, घोड़ाडोंगरी, बैतूल बाजार आदि में लोग नगर सरकार चुनने के लिए मतदान कर रहे हैं।प्रदेश के 43 जिलों के 214 नगरीय निकायों में सुबह 7 बजे से मतदान प्रक्रिया शुरू हो गई, जो शाम 5 बजे तक चलेगी। कुल 6 हजार 829 मतदान केंद्रों पर 49 लाख 9 हजार 280 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे। इसमें 25 लाख 20 हजार 923 पुरूष, 23 लाख 88 हजार 65 महिला और 292 अन्य मतदाता हैं। दूसरे और अंतिम चरण में पांच नगरपालिक निगम, 40 नगरपालिका परिषद और 169 नगर परिषद में मतदान होगा। मतदान ईवीएम के माध्यम से होे रहा है। मतदाताओं में  नगरीय निकाय चुनाव को लेकर खासा उत्‍साह नजर आ रहा है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 July 2022

कोरोना के मामले बढ़ने लगे

  कोरोना के 171 मरीज मिले   मध्य प्रदेश में कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं। सबसे ज्यादा इंदौर में 547 सैंपल की जांच में 78 मरीज मिले हैं। इसके बाद भोपाल में 472 सैंपलों की जांच में 35 मामले सामने आए हैं। जबलपुर में 15 मरीज मिले हैं। बाकी जिलों में मरीजों की संख्या 10 से कम है। पिछले 24 घंटे में कोरोना के 171 मरीज मिले हैं। यह मामले 7298 सैंपलों की जांच में सामने आए हैं।  इसके पहले सोमवार को प्रदेश में 5157 सैंपलों की जांच में 116 मरीज मिले थे। यानी 2141 सैंपल बढ़े तो 53 मरीज बढ़ गए हैं। प्रदेश में हर दिन 25 हजार सैंपल जांचने का लक्ष्य है, लेकिन हाल यह है कि यह आंकड़ा आठ हजार तक भी नहीं पहुंच पा रहा है। यानी लक्ष्य के मुकाबले एक तिहाई सैंपलिंग भी नहीं हो रही है। छोटे जिलों में हर दिन कम से कम 200 सैंपल लेने का लक्ष्य है। इसके बाद भी हाल यह है कि मंगलवार को 12 जिलों में एक भी सैंपल की जांच नहीं हुई है। बाकी 40 जिलों में से 32 में संक्रमित मिले हैं।आंकड़ों से साफ है कि सैंपलों की संख्या बढ़ाई जाए तो मरीजों मी संख्या मौजूदा से तीन गुना तक ज्यादा हो सकती है। लेकिन राहत की बात है की संक्रमित कम गंभीर हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 July 2022

निकाय चुनाव के दूसरे चरण में महाकोशल-विंध्य में मतदान

  महापौर पार्षदों की किस्मत ईवीएम में हुई कैद  मध्यप्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव के दूसरे  चरण में बुधवार को महाकोशल-विंध्य के जिलों में मतदान हुआ है । जबलपुर के कटंगी, मझौली, पाटन और शहपुरा नगर परिषद में मतदान किया जा रहा है। वहीं बालाघाट नगर पालिका, कटंगी व लांजी नगर परिषद के अलावा सिवनी की छपारा और केवलारी नगर परिषद में ईवीएम से मतदान होगा। सतना जिले की नगर पालिका परिषद मैहर, नगर परिषद नागौद, रामपुर बाघेलान, रामनगर, अमरपाटन व कोटर के अलावा रीवा नगर निगम, नगर परिषद गोविंदगढ़, गुढ़, सिरमौर, बैकुंठपुर, त्योंथर, मनगवां, सेमरिया, चाकघाट व डभौरा में मतदान होगा। उमरिया की नवगठित मानपुर नगर परिषद में भी मतदाता पहली बार वोट डालेंगे। कटनी नगर निगम और बरही नगर परिषद और शहडोल की नगरीय निकाय धनपुरी, ब्यौहारी, खांड और बकहो में कड़ी सुरक्षा के बीच होगा मतदान होगा। बुंदेलखंड के दमोह जिले की हटा नगर पालिका परिषद और तेंदूखेड़ा व पटेरा नगर पंचायत के अलावा पन्ना जिले की गुनौर नगर परिषद, पवई और अमानगंज में मतदाता प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे।बालाघाट के  कटंगी व लांजी के पार्षदों के निर्वाचन के लिए सुबह सात बजे से मतदान शुरू हो गया है। रीवा और कटनी में महापौर और पार्षद पद के लिए वोटिंग हो रही है। रीवा में दूसरे चरण का मतदान हुआ। 9 नगरीय निकायों के नगर परिषद गोविंदगढ़, गुढ़, सिरमौर, बैकुंठपुर, त्योंथर, मनगवां, सेमरिया, चाकघाट के साथ  डभौरा में नगरीय निकायों के 135 वार्डों में पार्षद पदों के लिए 838 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।  नगर परिषद गुढ़ में 75, गोविंदगढ़ में 58, मनगवां में 58 तथा डभौरा में 95 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।  इसी तरह नगर परिषद सिरमौर में 67, बैकुण्ठपुर में 66, सेमरिया में 63, चाकघाट में 55 तथा त्योंथर में 84 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 July 2022

पहलवान ने मामूली कहासुनी में एक को पीटा

  अस्पताल में पीड़ित की इलाज के दौरान मौत  मध्यप्रदेश के इंदौर में पहलवान से  मामूली कहासुनी हो गई।  जिसके बाद पहलवान ने एक युवक को इतना पीटा कि वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया, जहां 12 दिन तक वह जीवन के लिए संघर्ष करता रहा, सोमवार को उसकी मौत हो गई । पुलिस ने इतने पर भी  मामूली धाराओं में केस दर्ज किया था। अब प्रकरण में धारा 302 भी जोड़ी जाएगी। घटना के बाद से ही आरोपित पहलवान घर पर ताला लगाकर फरार है।  मामला  पंढरीनाथ थाना क्षेत्र स्थित कड़ावघाट में हुई। लोडिंग आटो में हम्माली का काम करने वाला शोएब पुत्र जाहिद खान उम्र 25 साल निवासी न्यू फ्रेंड्स कालोनी आटो में बैठा था। तभी आरोपित सरफराज ने उसे बुलाया। सरफराज की क्षेत्र में फर्नीचर की दुकान है और वह पहलवानी करता है। शोएब ने नहीं सुना तो लोगों ने कहा कि पहलवान बुला रहे हैं। वह गया तो सरफराज ने कहा कि मेरी आवाज सुनाई नहीं दी क्या? इस पर शोएब और सरफराज में विवाद हुआ और झूमाझटकी हो गई। लेकिन थोड़ी देर बाद  सरफराज ने फिर मारापीटी की।  उसके बेहोस होने के बाद भी उसके ऊपर बैठकर मारता रहा । बाद में शोएब को निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया और घटना की सूचना पुलिस को दी। पुलिस अब इस मामले की जांच में जुट गई है। पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गई है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 July 2022

मप्र में भारी बारिश से नदियां उफान पर

  नदी के किनारे रहने वालों को चेतावनी जारी    मध्यप्रदेश में भारी बारिश का दौर जारी है।  भारी वर्षा के कारण नर्मदा, बेतवा सहित अन्य नदियां उफान पर हैं। मप्र सरकार ने नदी के किनारे रहने वालों को चेतावनी जारी की है। विदिशा में बीती रात साढ़े तीन घंटे में आठ इंच वर्षा हुई और कई स्थानों पर पानी भर गया। कई लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। राहत और बचाव के कार्य चल रहे हैं। गृह और राजस्व विभाग ने सभी कलेक्टरों को स्थिति पर नजर रखने और आपदा प्रबंधन टीम को तैयार रखने के निर्देश दिए हैं।  गृह मंत्री डा.नरोत्तम मिश्रा ने स्टेट कमांड सेंटर का अवलोकन कर आपदा प्रबंधन के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने नदी किनारे अलर्ट जारी किया है। बीते दो दिन से हो रही वर्षा के कारण नर्मदा, बेतवा सहित अन्य नदियां उफान पर हैं। विदिशा, हरदा, भोपाल, बैतूल सहित अन्य जिलों में निचले इलाकों में पानी भर गया। राजस्व विभाग के अधिकारियों ने बताया कि कहीं भी अभी बाढ़ की स्थिति नहीं है लेकिन सभी अधिकारियों को सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं। भारी बारिश के चलते कई घटनाएं भी सामने आई हैं।  फिलहाल लोगों को सतर्क किया गया है।  और प्रशासन को नजर बनाए रखने के निर्देश जारी किये गए हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 July 2022

मंत्री नरोत्तम मिश्रा का पूर्व सीएम कमलनाथ पर तंज

वोट नहीं की परंपरा को विधानसभा लोकसभा में भी होगी क्या  गृहमंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व सीएम कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि कमल नाथ वोट नहीं करने की अपनी परंपरा को विधानसभा और लोकसभा चुनाव में भी जारी रखेंगे? उन्होंने तंज कस्ते हुए कहा  'कमल नाथ की उम्र रेस की नहीं रेस्ट की है'। कमल नाथ अगर आप ने सरकार में रहते हुए प्रदेश में विकास के कार्यों की रेस लगाई होती तो आपकी पार्टी नहीं टूटती। कांग्रेस सरकार में विकास के कार्य केवल कागजों पर ही हुए। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में भारी बारिश से प्रभावित 16 जिलों में स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और स्थिति अब धीरे-धीरे सामान्य हो रही है। राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष स्थापित करने के साथ बाढ़ और जलभराव की जानकारी देने के लिए टोल फ्री नंबर 1070 और 1079 जारी किया गया‌ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 116 नए केस आए हैं, वहीं 97 मरीज ठीक हुए हैं। वर्तमान में प्रदेश में कुल एक्टिव केस 857, संक्रमण दर 2.25 प्रतिशत और रिकवरी रेट 98.70 प्रतिशत है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 July 2022

गृह एवं जेल मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा का बयान

  मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सभी से वोट की अपील की   गृह एवं जेल मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बयान सामने आया है।  नरोत्तम मिश्रा ने कोरोना को लेकर कहा कि पिछले 24 घण्टो में कोरोना के 131 मामले सामने आये है। 100 लोग ठीक हुए है 838 एक्टिव केस है। सैंपल 6822 लिए गए है। 3 पुलिसकर्मी संक्रमित मिले हैं। सरकार द्वारा मंत्रियों के पीए और स्टाफ को शिष्टाचार की ट्रेनिंग देने पर मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि शिष्टाचार जितना ज़्यादा होगा अच्छा है। वहीं नकुलनाथ के बयान पर उन्होंने कहा जैसे पिता हैं वैसे ही पुत्र हैं।  इनका भी लोकतंत्र पर भरोसा नहीं रहा है। वोट क्यों नहीं दिया। वोट देने जाना चाहिये था।  नरोत्तम मिश्रा ने मप्र में बन रही बाढ़ की स्थिति पर कहा  भोपाल संभाग के आसपास बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। विदिशा में 8 इंच बारिश हुई है। अब पानी उतर गया।  सामान्य स्थिति हो रही है।  55 लोग राहत कैम्प में है।  3 लोगों को मोटर वोट से रेस्क्यू कर बचाया गया है। कोई जनहानि नहीं हुई है। खाने के पैकेट बनवाये गए है। पुलिसलाइन में पानी भरा है। नर्मदा और बेतवा नदी के किनारे के आसपास अलर्ट किया गया है।  वहीं उन्होंने मुरैना मामले  पर कहा कि  स्थिति ऐसी नहीं थी। वो जब आया था गंभीर बीमार था। फिर भी सरकार ने मामले को गंभीर माना है।  10 हज़ार रुपये  सम्बल योजना से भी राहत राशि दी है।  सिविल सर्जन को शोकॉज नोटिस दिया गया है। चुनाव पर कहा भाजपा सभी जगह चुनाव जीत रही है। नरोत्तम मिश्रा ने सभी से वोट की अपील की है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 July 2022

दूसरे चरण के नगरीय निकाय चुनाव के प्रचार सोमवार को थमे

  13 जुलाई को सुबह सात से शाम पांच बजे तक मतदान होगा    मध्य प्रदेश में दूसरे चरण के नगरीय निकाय चुनाव  सोमवार को  थम गया ।13 को सुबह सात से शाम पांच बजे तक मतदान होगा। इसमें पांच नगर निगम, 40 नगर पालिका और 169 नगर परिषद के लिए छह हजार 829 मतदान केंद्रों पर मतदान कराया जाएगा।  दूसरे चरण में 38 जिलों के नगरीय निकायों के लिए चुनाव कराया जा रहा है। इसमें पांच नगर निगम के महापौर, पार्षद और 209 नगर पालिका व नगर परिषद के पार्षद पद का चुनाव होगा। मतदान इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन  से होगा। प्रत्येक वार्ड में अतिरिक्त ईवीएम की व्यवस्था की गई है ताकि माकपोल या मतदान के दौरान मशीन खराब होने पर तत्काल बदला जा सके। पहले चरण के नगरीय निकाय चुनाव में 60 प्रतिशत मतदान  कम मतदान को लेकर भाजपा और कांग्रेस ने राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह से मुलाकात करके मतदान पर्ची का वितरण न होने, मतदान केंद्र के निर्धारण में मतदाता सूची का ध्यान न रखने की शिकायत की। इसे गंभीरता से लेते हुए आयोग ने सभी कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों को मतदान से पहले सभी मतदाताओं को मतदाता पर्ची मिलना सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी दी है। दूसरे चरण के मतदान की मतगणना अब 20 जुलाई को होगी। पहले यह 18 जुलाई को होनी थी लेकिन राष्ट्रपति पद के चुनाव को देखते हुए कांग्रेस और भाजपा के अनुरोध पर आयोग ने इसे दो दिन आगे बढ़ा दिया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 July 2022

पूर्व सीएम उमा भारती ने सुनाई  मंत्रालय बदलने की पीड़ा

  गंगा की अविरलता को बचाने के लिए अनुशासनहीनता की थी पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती इन दिनों शराबबंदी को लेकर चर्चाओं में हैं।  उन्होंने अक्टूबर में शराब नीति के विरोध में आंदोलन करने की बात कही है। इसी बीच उन्होंने रविवार रात एक के बाद एक 41 ट्वीट किए और अपनी कई पीड़ा उजागर की। गंगा सफाई अभियान मंत्री होने के दौरान विभाग बदलने की पीड़ा को भी उन्होंने सार्वजनिक किया। उमा भारती ने कहा कि उन्होंने गंगा की अविरलता को बचाने के लिए अनुशासनहीनता की थी। यही वजह थी कि उनका विभाग बदल दिया गया था। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि गंगा की अविरलता पर दिया गया मेरे मंत्रालय का एफिडेविट सरकार द्वारा लिए गए निर्णय के विपरीत था। ऊर्जा, पर्यावरण एवं मेरे जल संसाधन मंत्रालय की एक कमेटी बनी, जिसमें तीनों को मिलाकर गंगा पर प्रस्तावित पावर प्रोजेक्ट पर एफिडेविट बनाना था। फिर कैबिनेट सेक्रेटरी एवं पीएमओ की सहमति के बाद हमारे मंत्रालय के माध्यम से वह सुप्रीम कोर्ट में पेश होना था। तीनों मंत्रालयों की गंगा की अविरलता पर सहमति नहीं बन पा रही थी। भारत सहित विश्व के सभी पर्यावरण विशेषज्ञों की राय एवं अरबों गंगा भक्तों की आस्था दांव पर लगी थी। उन सबकी राय में हिमालय, गंगा एवं उसकी सहयोगी नदियों पर प्रस्तावित 72 पावर प्रोजेक्ट गंगा, हिमालय एवं पूरे भारत के पर्यावरण के लिए संकट का विषय थे। उमा भर्ती ने कहा मैंने तथा मेरे गंगा निष्ठ सहयोगी अधिकारियों ने बिना किसी से परामर्श किए कोर्ट में एफिडेविट प्रस्तुत कर दिया। उस एफिडेविट पर ऊर्जा एवं पर्यावरण मंत्रालय एवं उत्तराखंड की त्रिवेन्द्र रावत जी की सरकार ने अपनी असहमति दर्ज की। फिर कोर्ट ने तुरंत केंद्र सरकार से परामर्श करके उस एफिडेविट को अमान्य कर दिया। वह तो आज भी कोर्ट की संपत्ति है और शायद केंद्र की सरकार उसके विपरीत नया एफिडेविट पेश नहीं कर पाई है। स्वाभाविक है कि मैंने अनुशासनहीनता की, मुझे तो मंत्रिमंडल से बर्खास्त भी किया जा सकता था लेकिन गंगा की अविरलता तो बच गई। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 July 2022

जीवन के भटकाव को दूर कर ज्ञान की राह दिखाते हैं गुरु

  गुरु ब्रह्मा गुरु विष्णु गुरु देवो महेश्वरा गुरु साक्षात परम ब्रम्ह तस्मै श्री गुरुवे नमः    संसार में वैसे तो महत्वपूर्ण दिवसों की कमी नहीं है, लेकिन गुरु पूर्णिमा का महत्व उनमें सबसे अलग है। इस दिन हम अपने गुरु का स्मरण करते हैं, उनका सम्मान करते हैं और उनके प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करते हैं। यह तो हम सब जानते हैं कि गुरु का प्रचलित अर्थ अध्यापक, शिक्षक, टीचर या इसी तरह के दूसरे शब्द हैं। लेकिन गुरु शब्द की व्युत्पत्ति कैसे हुई? गुरु शब्द में दो हिस्से हैं गु और रु। गु का अर्थ है अंधकार और रु का अर्थ है प्रकाश। अर्थात जो अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाए वही गुरु है। इस तरह देखें तो उपनिषद का वाक्य "तमसो मा ज्योतिर्गमय" कहीं ना कहीं गुरु के लिए ही कहा गया है। इसीलिए आज भी हम अपने समाज में देखते हैं तो बहुत से लोग आपको ऐसे मिल जाएंगे जो अध्यापकों के प्रति कृतज्ञ होते हैं और व्यावहारिक अर्थ में उन्हें अपना गुरु भी मानते हैं। लेकिन असल में वे किसी ऐसे आध्यात्मिक व्यक्ति को अपना गुरु मानते हैं जिससे उन्होंने दीक्षा ली हो। भारतीय परंपरा में गुरु दीक्षा का बहुत महत्व है। इस परंपरा का अनुभव करने वाले जानते हैं कि जब गुरु दीक्षा देता है तो संबंधित व्यक्ति के कान में कोई मंत्र देता है। सामान्यतः गुरु अपने शिष्य से कोई ना कोई एक चीज का त्याग करने का आग्रह भी करता है।   आजकल तो लोग खाने या पीने की कोई चीज छोड़ देते हैं लेकिन असल में इसका मूल मकसद किसी बुराई को त्यागने से होता है। हमारा गुरु हमसे ऐसे त्याग की अपेक्षा करता है जो संसार के कल्याण में हो।   एक बात और ध्यान रखिए कि आजकल गुरु बड़ी जल्दी से गुरु दीक्षा और गुरु मंत्र दे देते हैं, लेकिन पुराने समय में शिष्य लंबे समय तक गुरुकुल में रहते थे। भिक्षा मांग कर खाते थे। अपने गुरु से विद्या सीखते थे और गुरु की सेवा करते थे। जब यह शिक्षा पूर्ण हो जाती थी तो गुरुजी परीक्षा लेते थे। और परीक्षा में उत्तीर्ण हो जाने के बाद ही उससे गुरु दक्षिणा स्वीकार करते थे। उस जमाने में मासिक फीस भरने का चलन नहीं था। प्राचीन भारत के गुरुकुल में राज पुत्र और गरीब के बेटे दोनों को एक समान व्यवस्था में अध्ययन करना होता था। यह भारतीय परंपरा का पुराना समाजवाद है।   खैर आपको भी लगता होगा कि कहां इस गुरु पूर्णिमा पर पुराने जमाने की बातों का सिलसिला शुरू कर दिया गया। कुछ बातें नए जमाने की भी होनी चाहिए।   तो नए जमाने की बात करें। आजकल गुरुकुल तो नहीं होते हॉस्टल जरूर होते हैं। बहुत से शिक्षक सिर्फ गुरु दक्षिणा के उद्देश्य से पढ़ाते हैं लेकिन आज भी ऐसे शिक्षक मौजूद हैं जो बच्चे को किताबी शिक्षा देने के साथ ही उसके समग्र व्यक्तित्व का विकास करने पर ध्यान देते हैं। जो बच्चे के मनोभावों को पकड़ते हैं, उसकी प्रतिभा को पहचानते हैं और उसे सही दिशा में गढ़ने की कोशिश करते हैं। अगर आपको मेरी बात पर सहज विश्वास ना हो रहा हो तो जरा याद करिए की पहली कक्षा से लेकर पोस्ट ग्रेजुएशन तक आपको कितने शिक्षकों ने पढ़ाया है। क्या आपको वह सारे शिक्षक याद हैं? जवाब होगा, नहीं। लेकिन कुछ शिक्षक ऐसे होंगे जो आपको याद हैं। कुछ शिक्षक ऐसे होंगे जिनसे आप वर्षों से नहीं मिले लेकिन इस गुरु पूर्णिमा पर उन्हें फोन करेंगे, या सोशल मीडिया पर उन्हें प्रणाम निवेदन करेंगे। कई शिक्षक ऐसे होंगे, जिनका जिक्र आते ही आपका मन श्रद्धा से झुक जाता होगा। वर्तमान समय में यह जो अंतिम चरण का शिक्षक है असल में वही आपका गुरु है। असल में यह वही गुरु है जिसका वर्णन कबीर दास जी ने इस तरह किया है:   गुरु कुम्हार शिष कुंभ है,  गढ़ गढ़ काढ़े खोट|  अंतर हाथ सहाय दे,  बाहर मारे चोट||    कबीर दास जी ने इतना ही नहीं कहा।  भक्ति आंदोलन से देखें तो उसने कहा गया "बिन गुरु मिले न ज्ञान"। कबीर दास जी के गुरु रामानंद जी थे, सूरदास जी के गुरु वल्लभाचार्य थे, स्वामी विवेकानंद के गुरु रामकृष्ण परमहंस थे और बाकी संतो के गुरु की आप को खोजने पर मिल जाएंगे। असल में गुरु के महत्व पर इतना ज्यादा जोर इसलिए दिया गया है कि व्यक्ति ज्ञान तो कुछ भी प्राप्त कर सकता है लेकिन उसमें भटकाव की बहुत संभावना है। ज्ञान एकदम मौलिक चीज नहीं है बल्कि उसमें आपसे पहले की सभ्यता ने जो जो चीजें अर्जित की हैं वह सब शामिल हैं। गुरु का काम होता है कि वह अपने शिष्य को पूर्व अर्जित संपूर्ण ज्ञान से परिचित करा दे और उसके अंदर एक ऐसी दृष्टि विकसित करे जिससे वह अतीत के ज्ञान का उपयोग भविष्य की राह खोजने में कर सके। यही नहीं वह पूर्व संचित ज्ञान में अपने हिस्से का थोड़ा सा अनुभव भी जोड़ सके। अगर गुरु हमें पुराना ज्ञान नहीं देगा तो हमारा जीवन पुराने ज्ञान को समझने में ही निकल जाएगा और हम कोई नया काम नहीं कर पाएंगे। इस प्रक्रिया में पथभ्रष्ट होने की संभावना बहुत ज्यादा है। इसलिए गुरु और भी महत्वपूर्ण हो जाता है।    आजकल आप लोग अध्यापक की डांट से  बहुत जल्दी नाराज हो जाते हैं। कई बार तो छोटे-छोटे बच्चे यह कहते हैं कि टीचर ने उनकी इंसल्ट कर दी। हमारे जमाने में तो माता-पिता अध्यापक से कह देते थे कि मास्टर जी हड्डी हड्डी हमारी और खाल खाल तुम्हारी। यानी अध्यापक महोदय आप बच्चे की इतनी पिटाई कर सकते हैं कि उसकी हड्डी ना टूटे, चमड़ी पर जितनी चाहे चोट पहुंच जाए। जाहिर है बदलती दुनिया में इस तरह के शारीरिक दंड की व्यवस्था अब समाप्त हो चुकी है। लेकिन दंड की व्यवस्था समाप्त होने का अर्थ यह नहीं है कि गुरु का सम्मान करने की व्यवस्था भी समाप्त हो जाए। इस तरह देखें तो गुरु हमारे जीवन में पहले भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहे हैं और आगे भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहेंगे।  गुरु पूर्णिमा की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।   प्रवीण कक्कड़ 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 July 2022

पूर्व सीएम के ट्वीट पर भाजपा प्रवक्ता का पलटवार

    अपनी नाकामियों का छिपाने भाजपा पर न लगाएं आरोप    भोपाल। पूर्व सीएम कमलनाथ एक बार फिर ट्वीट कर राजनैतिक जंग छेड दी है। दरअसल कमलनाथ ट्वीट कर भाजपा पर 15 माह की सरकार गिराने का आरोप लगाया है। पूर्व सीएम के इस ट्वीट के बाद राजनीतिक गलियारों मेंं जंग छिड़ गई है, जिसके बाद भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दुर्गेश केसवानी ने तीखा पलटवार करते हुए कहा है कि कमलनाथ बातें न बनाएं। उनकी बड़ी महत्वकांक्षाओं के कारण ही उनकी अच्छी खासी सरकार गिर गई। डॉ. केसवानी ने कहा कि कमलनाथ केंद्र और राज्य की राजनीति का 40 साल से भी ज्यादा का अनुभव रखते हैं। इतना अनुभव रखने के बाद भी आखिरकार वे 5 साल चलने वाली अपनी सरकार को 15 माह भी संभाल नहीं पाए। अब वे अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए भाजपा की सरकार पर अनर्गल आरोप लगा रहे हैं। वहीं 15 माह के  दौरान नाथ ने मप्र को 15 साल पीछे धकेल दिया।    इस कारण गिरी नाथ की सरकार :  दरअसल नाथ सरकार ने चुनाव के समय गिनाए अपने 973 वचनों में से एक भी पूरा नहीं कर पाए। चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गांधी और कमलनाथ ने सरकार बनते ही दस दिन के अंदर कर्ज माफी की बात कही। जबकि कर्ज माफी की जगह वे जैकलीन और सलमान के साथ फाेटो खिंचवाने में व्यस्त रहे। इसके बाद भी वे हर जगह कर्जमाफी का शिगूफा अलापते रहे। उन्होंने गौ रक्षा के लिए 27 हजार पंचायतों में गौशाला खोलने की बात कही, जबकि कहीं भी गौशाला खोलने कोई पहल नहीं हुई। नाथ अपने वचनों पर केवल प्रवचन देते रहे। इतना ही नहीं युवाओं को 4 हजार के भत्ते की जगह ढोल बजाने और ढोर चराने की शिक्षा देते रहे। पेट्रोल पर सब्सिडी देने की घोषणा करने वाले नाथ ने एक बार भी पेट्रोल पर वेट कम नहीं किया। खाली योजनाओं के नाम पर एक एक कर जनकल्याणकारी योजनाएं बंद करते चले गए।  40 साल का राजनीतिक अनुभव क्यों नही संभाल पाया सरकार कमलनाथ ने 15 माह में प्रदेश को 15 साल पीछे धकेला  दुर्गेश केसवानी (भाजपा प्रवक्ता)

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 July 2022

मूंग समर्थन मूल्य पर कमलनाथ का सरकार पर निशाना

  सरकार किसानों के साथ कर रही है धोखा   प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में इस बार ग्रीष्मकालीन मूंग का लगभग 17 लाख टन उत्पादन हुआ है। सरकार ने समर्थन मूल्य पर मूंग खरीदने की घोषणा की थी लेकिन अब तक इस कोई निर्णय नहीं हो पाया है।  कमलनाथ ने सरकार पर  किसानों को धोखा देने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने दो लाख 27 हजार टन मूंग खरीदने की अनुमति भी दी है , लेकिन अब तक किसानों का पंजीयन ही शुरू नहीं हुआ  है। वहीं बाजार में मूंग की कीमत समर्थन मूल्य से कम है। कमलनाथ  ने कहा कि प्रदेश के 30 जिलों में 12 लाख हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र में ग्रीष्मकालीन मूंग की खेती की गई थी। लगभग 17 लाख टन उत्पादन हुआ है। पिछले साल सरकार ने मूंग की खरीदी की थी, जिससे किसान प्रोत्साहित हुए और अधिक क्षेत्र में बोवनी की, लेकिन अभी तक सरकार ने समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिए पंजीयन ही नहीं किया है। मूंग का न्यूनतम समर्थन मूल्य सात हजार 755 रूपये है। जबकि, बाजार में इसका मूल्य साढ़े चार से पांच हजार रुपये चल रहा है। इससे किसानों को प्रति क्विंटल लगभग दो हजार रुपये का नुकसान हो रहा है। कमलनाथ ने  कहा कि मैंने अप्रैल में ही मूंग खरीदी की तैयारी करने की ओर सरकार का ध्यान दिलाया था, पर कोई कदम नहीं उठाया गया। अब किसान को आर्थिक नुक्सान हो रहा है। सरकार किसानों के साथ धोखा कर रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 July 2022

शराबबंदी को लेकर एक बार फिर उमा भारती सामने आई

  ट्वीट कर कहा शराब नीति के खिलाफ होगा आंदोलन  शराबबंदी को लेकर एक बार फिर पूर्व सीएम उमा भारती ने दम भर दिया है। उमा भर्ती ने ट्वीट कर शराब नीति को लेकर आंदोलन की बात कही है। उमा भारती ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए और कहा कि 10 जुलाई को देवशयनी एकादशी आएगी, सूर्य उसके बाद दक्षिणायन हो जाएंगें। इसीलिए आज ही मैं अपनी बात कहूंगी। मध्यप्रदेश में नशामुक्ति (जिसमें शराब बंदी भी शामिल है) अभियान भाजपा का ही वादा है एवं मैं उसी का अनुसरण कर रही हूं। मैं भाजपा की एक समर्थ एवं निष्ठावान कार्यकर्ता हूं, इसीलिए मैंने अधिकतर पंचायत एवं निगम चुनाव हो जाने दिए। इस बीच मैं मौन रही। अब मेरी सबसे अपील है कि कोई दुविधा में न रहे, सब अपनी-अपनी जगह पर रहकर ही इस के लिए अपनी सामर्थ्य अनुसार ही काम करें। मैं एक बहुत बड़ी कठिनाई का समाधान कर रही हूं। आज से अक्टूबर तक मैं इस अभियान में उनको अपने साथ आने के लिए कहूंगी। जो किसी पार्टी के कार्यकर्ता, पदाधिकारी या अन्य किसी पद पर नहीं हैं। फिर अक्टूबर में गांधी जयंती पर भोपाल की सड़कों पर मैं महिलाओं के साथ इस राक्षस जैसी सामाजिक बुराई के खिलाफ मार्च करूंगी। उमा भारती अपनी ही पार्टी के खिलाफ अब शराब नीति को लेकर विरडोह करेंगी।   हालॉंकि कई बार उन्होंने शराब के विरडोह में बयानबाजी की है।  दुकानों में तोड़फोड़ भी की  थी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 July 2022

वोट न डालने पर सीएम शिवराज के निशाने पर कमलनाथ

  सीएम : कमलनाथ ने अपने क्षेत्र में मतदान नहीं किया   रतलाम में मुख्यमंत्री शिवराज शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व सीएम कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने  नगर निगम चुनाव में भाजपा प्रत्याशी प्रह्लाद पटेल सहित अन्य पार्षद प्रत्याशियों के समर्थन में चुनावी सभा की।  इस मौके सीएम ने कहा कि कमल नाथ ने खुद ही अपने क्षेत्र में मतदान नहीं किया। वे चाहते हैं कि जनता मतदान करें और वे सिर्फ राज करें ऐसा नहीं होगा। उनके मतदान नहीं करने से स्पष्ट हो जाता है कि वह चुनाव को लेकर कितने गंभीर हैं। वह पहले भी कह चुके हैं कि मुझे इन चुनावों में इंटरेस्ट नहीं है। शिवराज ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि रतलाम की जनता मेरे रोम-रोम में बसी है। मैं आपसे पूछता हूं कि दिल पर हाथ रखकर जवाब देना कि विकास के जितने काम भारतीय जनता पार्टी ने रतलाम में किए हैं, कभी कांग्रेस ने किए। रतलाम में घर-घर पेयजल और सीवेज सिस्टम को दुरुस्त करके नागरिक सुविधाओं को बेहतर किया जाएगा। रतलाम में 18,000 करोड़ रुपए के उद्योग आएंगे, जिससे 25,000 लोगों को रोजगार मिलेगा। शिवराज ने कहा  कमल नाथ मुख्यमंत्री थे, तब केवल पैसों के अभाव का रोना रोते रहते थे, उन्होंने रतलाम के विकास के लिए कोई काम नहीं किया। मेरे पास रतलाम के विकास के लिए पैसों की कमी नहीं है। कमल नाथ से जब विकास की बातें की जातीं, तो कहते थे 'मामा खजाना खाली कर गया'। जब प्रदेश का विकास नहीं कर सकते तो कुर्सी पर बैठ ही क्यों गए थे। गरीबों के कल्याण की योजनाएं बंद कर दी थीं। शिवराज के निशाने में कमलनाथ विकास के साथ वोट न डालने को भी रहे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 July 2022

कलेक्टर ने मतगणना में मोबाइल फोन में लगाया प्रतिबन्ध

  मतगणना के दौरान मोबाइल फोन प्रतिबंधित रहेगा   जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर अविनाश लवानिया ने निर्देश दिए हैं कि नगरीय निकाय चुनाव की मतगणना के दौरान मोबाइल फोन प्रतिबंधित रहेगा। निर्वाचन पर्यवेक्षण हेतु आयोग द्वारा नियुक्त प्रेक्षक उक्त प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे।  प्रथम चरण में भोपाल नगर निगम के चुनाव हो चुके हैं। इवीएम मशीनों को पुरानी जेल के स्ट्रांग रूम में रखा गया है। यहां सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए हैं। नगर निगम पार्षद पद के 85 के लिए 398 प्रत्याशी और महापौर पद के लिए आठ महिला प्रत्याशी मैदान में थे। इनकी जीत और हार का फैसला मतगणना के साथ 20 जुलाई के साथ हो जाएगा। कलेक्टर अविनाश लवानिया ने बताया कि नगरीय निकायों के आम निर्वाचनों की मतगणना के दौरान मोबाइल फोन का उपयोग मतगणना कार्य में बाधक होता है।  मतगणना कार्य की गोपनीयता भंग होने की संभावना बनी रहती है।  यदि कोई अभ्यर्थी या उसका निर्वाचन अभिकर्ता अथवा गणना अभिकर्ता मतगणना स्थल पर मोबाइल लाता है, तो उसे प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इस संबंध में सभी अभ्यर्थियों के साथ-साथ मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों को पूर्व से अवगत भी करा दिया गया है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 July 2022

नशे की हालत में मिला पीठासीन अधिकारी

  कलेक्टर ने किया महेश शर्मा को निलंबित    रीवा में पीठसीन अधिकारी के द्वारा नशे की हालत में मतदान दल के साथ गाली गलौच का मामला सामने आया है। रीवा कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी मनोज पुष्प ने त्यौंथर विकासखंड में मतदान केंद्र क्रमांक 108 के पीठासीन अधिकारी महेश प्रसाद शर्मा सहायक वर्ग-1 जल संसाधन विभाग को तत्काल प्रभाव से निलंबित करा दिया है। महेश शर्मा पीठासीन अधिकारी के रूप में कार्य करते हुए नशे की हालत में मतदान दल के अन्य सदस्यों से गाली गलौज की। जिसकी शिकायत पर  रिटर्निंग ऑफिसर के प्रतिवेदन में यह कार्यवाही की गई। उधर  मध्य प्रदेश में त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में मालवा-निमाड़ के खरगोन, खंडवा, धार, आलीराजपुर, बड़वानी, उज्जैन, नीमच, रतलाम, शाजापुर, आगर-मालवा और मंदसौर जिले में सुबह सात बजे से 3 बजे तक मतदान हुआ। शाजापुर जिले में पंचायत चुनाव मतदान के दौरान एक पीठासीन अधिकारी की तबीयत बिगड़ने के बाद मौत की सूचना है।  बड़वानी जिले के बड़वानी विकासखंड में 11 बजे तक 48.8 प्रतिशत और पाटी में 50 प्रतिशत मतदान हुआ। लोगों ने मतदान को लेकर उत्साह जताया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 July 2022

भगंवतराव मंडलोई में रैगिंग का मामला सामने आया

  छात्र ने जान देने की कोशिश की , छात्रों का हंगामा  कृषि महाविद्यालय  भगंवतराव मंडलोई में रैगिंग का मामला सामने आया है। बीएससी प्रथम वर्ष के छात्र हरिओम पाटीदार ने सिनियर छात्रों पर रैगिंग का आरोप लगाते हुए कीटनाशक पीने  से हंगाम मच गया। उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। घटना के विरोध में हिंदू स्टूडेंट आर्मी के कार्यकर्ताओं ने कालेज पहुंचकर जमकर हंगामा किया । उन्होंने कालेज में रैगिंग के नाम पर छात्रों को परेशान करने वाले सिनियर और जिम्मेदार प्रोफेसर पर कार्रवाई की मांग की है। हिंदू स्टूडेंट आर्मी के माधव झा ने बताया महाविद्यालय प्रबंधन को छात्र ने पूर्व में शिकायत भी की थी लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इसलिए उसे जान देने की कोशिश जैसा कदम उठाना पड़ा। मामले को लेकर चेतावनी भी दी गई है ,छात्रों ने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।  छात्रों की मांग है की जल्द दोषियों पर कार्रवाई की जाय। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 July 2022

मानसून सत्र आगे बढ़ाने के लिए राज्यपाल से आग्रह

  गृहमंत्री का ट्विटर से समरसता बिगाड़ने CEO पराग अग्रवाल को पत्र   गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने विधानसभा सत्र को लेकर कहा कि मानसून सत्र 25 जुलाई से आगे बढ़ाने के लिए राज्यपाल से आग्रह करेंगे। गृहमंत्री ने ट्वटिर पर आ रहे धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाले और विवादित ट्वीट को लेकर कंपनी के सीइओ पराग अग्रवाल को पत्र लिखा है। मिश्रा ने कहा कि कुछ लोगों के द्वारा ट्विटर का उपयोग धार्मिक भावनाएं को आहत करने और सामाजिक समरसता बिगाड़ने के लिए किया जा रहा है। इस तरह की ट्वीट होने से पहले उनका पहले परीक्षण किया जाए और उन्हें ट्विटर पर आने से रोका जाए। इसी तरह ऐसे ट्वीट करने वाले अकाउंट को भी प्रतिबंधित किया जाए। मिश्रा ने कहा कि 15 महीने की अपनी सरकार में कमल नाथ ने जिस तरह से भ्रष्टाचार किया उससे अब अगले 15 साल तक‌ मध्य प्रदेश में कांग्रेस सत्ता में नहीं आने वाली है। प्रदेश की जनता ‌का कांग्रेस पार्टी पर से विश्वास ही उठ गया है। नगरीय निकाय और त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के कारण 25 जुलाई से शुरू होने वाले विधानसभा के‌ मानसून सत्र को अगस्त में करने को लेकर माननीय नेता प्रतिपक्ष डा. गोविंद सिंह के साथ चर्चा में सहमति बनी है। सत्र को आगे बढ़ाने के लिए महामहिम राज्यपाल मंगुभाई पटेल से आग्रह करेंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 115 नए केस आए हैं।  वहीं 125 मरीज ठीक हुए हैं। वर्तमान में प्रदेश में कुल एक्टिव केस 778, संक्रमण दर 1.70 प्रतिशत और रिकवरी रेट 98.60 प्रतिशत है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 July 2022

अवैध धर्मस्थलों को लेकर हाई कोर्ट की फटकार

  पुराने अवैध निर्माण हटे नहीं , नए बना दिए गए  मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने अवैध धर्मस्थलों को लेकर नाराजगी जाहिर की है। जबलपुर हाई कोर्ट ने अवैध धर्मस्थल मामले में दायर अवमानना याचिका पर सख्त रुख अपनाया है। चीफ जस्टिस रवि मलिमठ और जस्टिस विशाल मिश्रा की युगलपीठ ने बचे हुए हुए स्थलों को न हटाए जाने के मामले में जबलपुर नगर निगम को जमकर  फटकार लगाई है। अवमानना याचिकाकर्ता अधिवक्ता सतीश वर्मा अधिवक्ता ने हाई कोर्ट को बताया कि मूल आदेश में दिए गए अवैध धर्म स्थलों को अब तक नहीं हटाया है। दूसरी ओर नए बनवा दिए गए हैं। इससे रोड चौड़ी करने, नाली निर्माण या फुटपाथ बनाने में विलंब हो रहा है। कैंटोनमेंट, रेलवे और आर्मी एरिया के अवैध निर्माण भी कलेक्टर जबलपुर की उदासीनता के कारण नहीं हटाए जा सके हैं। याचिकाकर्ता ने बताया कि ओमती में मशीन वाले बाबा की मजार, हनुमान मंदिर दमोहनाका सहित बहुत से धार्मिक स्थलों पर अभी तक कोई कार्रवाई नही की गई है। कोर्ट ने बचे स्थलों की लिस्ट याचिकाकर्ता से मांगी है। अब इस  मामले की अगली सुनवाई 15 जुलाई को होगी। लेकिन कोर्ट के इस फटकार के बाद नगर निगम क्या कार्रवाई करता है ये सोचने का विषय है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 July 2022

निकाय चुनाव में शिवराज कमलनाथ की चुनावी सभा

  शिवराज : बीजेपी ने विकास किया , कमलनाथ : शिवराज घोषणावीर  नगरीय निकाय चुनाव में दूसरे चरण के मतदान की तारीख जैसे जैसे नजदीक आती जा रही है।  वैसे वैसे प्रचार प्रसार तेज होता जा रहा है।  बीजेपी उम्मीदवारों के लिए जहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रैलियां कर रहे हैं। वहीं कांग्रेस की ओर से पूर्व सीएम कमलनाथ और दिग्विजय सिंह चुनाव प्रचार मैदान में है।  सीएम शिवराज  शहडोल चुनाव प्रचार करने पहुंचे। इस मौके पर उन्होंने कहा कि शहडोल आए बिना मेरा चुनाव पूरा नहीं हो सकता, क्योंकि मैंने शहडोल को संभाग बनाया, बकहो को नगर परिषद बनाया। यहां जितने विकास के काम हुए हैं वह भाजपा की सरकार ने ही कराया है। सड़क बिजली पानी सहित सभी विकास के भाजपा की सरकार ने कराया है। कांग्रेस के समय में तो ऐसी सड़क थी कि रीवा से शहडोल आते-जाते तक गाड़ियां टूटने के साथ शरीर की हड्डियां भी टूट जाती थी। गरीबों कल्याण के लिए चलाई जा रही योजनाओं को कांग्रेस कमलनाथ सरकार में बंद कर दिया था जिन्हें चालू कर दिया गया है। शहडोल जिले की धनपुरी, बकहो, व्यौहारी और खांड के विकास के लिए खजाने में कोई कमी नहीं है। वहीं चुनावप्रचार में सीएम शिवराज के साथ बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने भी सभाएं की। इस मौके शिवराज ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा की कमलनाथ की सरकार जब बनी थी तब वे खजाना खाली होने का रोना लेकर बैठ गए थे। कोई सीएम ऐसा करता है क्या। कमलनाथ ने कई योजनाओं को बंद कर दिया।  मुख्यमंत्री ने कहा गरीबों के लिए रोटी कपड़ा मकान पढ़ाई इलाज सभी की व्यवस्था भाजपा सरकार किया है। कांग्रेस के कार्यकाल में कभी मुफ्त में राशन नहीं मिला जबकि भारतीय जनता पार्टी की सरकार दे रही है। संबल योजना में अब हर वर्ग के गरीबों को लाभ दिलाया जाएगा, इसकी शुरुआत भाजपा सरकार जल्दी ही करने वाली है।  वहीं चुनाव प्रचार में रीवा पहुंचे कमलनाथ ने सीएम शिवराज पर निशाना साधते हुए कहा कि शिवराज घोषणा वीर हैं।  शिवराज ने 20 हजार घोषणाएं की है।  वे सिर्फ घोषणा करते हैं  क्या घोषणाओं से प्रदेश चलता है। उन्होंने दावा किया की 2023 में कांग्रेस की सरकार बनेंगी।  इस मौके पर कमलनाथ ने कांग्रेस महापौर प्रत्याशी को जिताने की अपील की।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 July 2022

11 इंडस्ट्रियल कारिडोर मप्र से निकलेगा नागपुर इंडस्ट्रियल कारिडोर

   विक्रम उद्योगपुरी को प्रमोट में 202 एकड़ जमीन आवंटित केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में देश के छह राज्यों के मुख्यमंत्री  वीडियों कान्फ्रेंस  के जरिये जुड़े ।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जबलपुर के डुमना एयरपोर्ट से वीडियो कान्फ्रेस से जुड़े। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश में 11 इंडस्ट्रियल कारिडोर का निर्माण हो रहा है। इसमें नागपुर इंडस्ट्रियल कारीडोर के प्रस्ताव को प्राथमिकता से बनाने की बात हुई। यह कारीडोर मध्य प्रदेश के मुरैना, ग्वालियर, गुना, भोपाल, होशंगाबाद, बैतूल से होकर निकलेगा।   इस दौरान शिवराज सिंह चौहान  ने कहा कि मध्य प्रदेश के कई जगह अलग-अलग क्लस्टर चिन्हित कर इसके लिए जमीन देने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। उन्होंने कहा  प्रधानमंत्री मोदी का  विजन  कमाल है कि देश में 11 इंडस्ट्रियल कारिडोर बनने वाले हैं, जो राज्यों की तकदीर व जनता की तस्वीर बदलने का कार्य करेगी। उनके विजन से दिशा मिलती है और इससे तेज गति से काम करने का प्रयास करते हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर में जैसा प्रेजेंटेशन में दिखाया गया, मध्यप्रदेश तेज गति से काम किया। इस परियोजना का कार्य योजना जितनी जल्दी होगी, उतनी जल्दी मध्य प्रदेश को लाभ मिलेगा। प्रधानमंत्री के सपने को साकार करने के लिए मध्यप्रदेश में विकास की प्रतिबद्धता जाहिर की और कहा कि विक्रम उद्योगपुरी को प्रमोट में 202 एकड़ जमीन आवंटित किया गया और इसमें 20 उद्योगपतियों ने जमीन भी ले चुके हैं।   कई ने काम प्रारंभ कर दिए हैं। उन्होंने  कहा कि नवंबर में एक कंपनी प्रोडक्शन प्रारंभ कर देगी। 15 कंपनियों की आवेदन आ चुके हैं जिन्हें बहुत जल्दी जमीन आवंटित किया जाएगा। विक्रम उद्योगपुरी में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। उद्योगपतियों को कोई दिक्कत नहीं होगी। मध्यप्रदेश वैसे भी इन्वेस्टर्स फ्रेंडली स्टेट है।  कोविड काल में भी उद्योगिक विकास के लिए लगातार प्रयास किए हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 July 2022

इंदौर भोपाल में फिर बढे कोरोना के मामले

  उपचाररत मरीजों की संख्या 300 पार हुई    इंदौर भोपाल में फिर  में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने लगे हैं।   चार महीने बाद शहर में कोरोना के उपचाररत मरीजों की संख्या 300 पार हुई है। इसके पूर्व  26 फरवरी 2022 को इंदौर में मरीजों की संख्या 300 से ऊपर थी। उस दिन इंदौर में 338 कोरोना संक्रमित उपचाररत थे। इसके बाद कोरोना के मरीजों की संख्या में लगातार उतार-चढ़ाव होता रहा, लेकिन 4 जुलाई 2022 को पहली बार उपचाररत मरीजों का आंकड़ा 300 पार हुआ। हालांकि राहत की बात यह है कि ज्यादातर कोरोना संक्रमितों में कोरोना के कोई लक्षण ही नहीं हैं। कुछ मरीज ऐसे हैं जिन्होंने सर्दी-जुकाम के बाद जांच करवाई और पता चला कि वे कोरोना संक्रमित हैं। सोमवार को इंदौर में कोरोना के 56 नए मरीज मिले हैं। इंदौर  में सिर्फ 265 संदिग्धों के सैंपल जांचे गए। इनमें से 56 में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। संक्रमण की दर 21 प्रतिशत से ऊपर रही। यानी जांच करवाने वाला हर पांचवे व्यक्ति में संक्रमण की पुष्टि हुई है। यह चिंता की बात है। स्वास्थ्य विभाग के दावों के बावजूद जिले में सैंपलिंग की संख्या नहीं बढ़ पा रही है। 13 जून को सीएमएचओ डा. बीएस सैत्या ने दावा किया था कि जिले में रोजाना दो हजार सैंपल एकत्रित किए जाएंगे लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 July 2022

नगरीय निकाय चुनाव में पहले चरण का मतदान कल

  थम गया प्रचार का शोर अब प्रचार डोर टू डोर   मध्यप्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव में पहले चरण का मतदान कल होना है।  अब  प्रचार का शोर  थम गया है। अब प्रचार डोर टू डोर प्रत्याशी कर सकेंगे।  ढोल ढमाकों के साथ प्रत्याशी नही कर पाएंगे अब प्रचार। नेताओ की रैली जुलूस सभाओं पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। मध्यप्रदेश में  133 निकायों में पहले चरण की वोटिंग 6 जुलाई को है। भोपाल,इंदौर,,ग्वालियर, जबलपुर, खंडवा, ब्रानपुर छिंदवाड़ा उज्जैन सागर सिंगरौली सतना नगर निगम में पहले चरण में होगा मतदान होंगे। राजगढ़ ब्यावरा सीहोर विदिशा गंजबासौदा डबरा सहित 36 नगरपालिका में पहले चरण में होगा मतदान। खुजनेर सुठालिया सिलवानी बाड़ी सहित 86 नगर परिषद में पहले चरण में  वोटिंग होगी। मध्यप्रदेश में इंदौर में सबसे ज्यादा 2250 पोलिंग जबकि भोपाल में 2160 है पोलिंग की संख्या..भोपाल और इंदौर सबसे ज्यादा 85-85 है वॉर्डों की संख्या। मतदान सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक EVM के जरिये होगा। निर्वाचन ने नगर निगम मतदान की तैयारियां पूरी कर ली है। आज सुबह 7 बजे लाल परेड ग्राउंड से  मतदान सामग्री का वितरण हुआ। सभी मतदान कर्मियों को सुबह 7 बजे उपस्थित रहने के निर्देश जारी किये। सभी मतदान केंद्रों पर मतदान कर्मियों के पहुँचने का रुट  भी  निर्धारित किया गया है। शांतिपूर्ण मतदान के लिए सुरक्षा व्यवस्था सख्त की जाएगी। भोपाल नगर निगम में कुल 2160 मतदान केंद्र है। निकाय चुनाव कार्य मे 240 बड़ी बस,199 छोटी बस,13 मैजिक वाहन,14 ट्रक का कुल सेक्टर 187 की कुल रुट  संख्या 448 पर इस्तेमाल किया जायेगा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 July 2022

मप्र में तेज  जनजीवन अस्त व्यस्त

  भोपाल में पांच इंच बारिश हुई    मध्यप्रदेश में तीनों सिस्टम एक्टिव होने के चलते बारिश का दौर शुरू हो गया है। भोपाल में झमाझम  वर्षा हुई । 24 घंटाें में पांच इंच बरसात हुई है । इससे शहर के निचले इलाकाें में पानी भर गया। मौसम विज्ञानियाें के मुताबिक अलग–अलग स्थानाें पर सक्रिय मौसम प्रणालियाें के असर से राजधानी सहित पूरे प्रदेश में वर्षा हाे रही है। भोपाल समेत कई जिलों में येलो एलर्ट और अतिवर्षा का एलर्ट जारी किया गया है।  भाेपाल में 123.7, मंडला में 81.4, मंडला में 57.2, बैतूल में 30.6, सिवनी में 28.4, सागर में 25.8, खंडवा में 20, जबलपुर में 19.8, ग्वालियर में 18.8, पचमढ़ी में 17.2, गुना में 16.6, नर्मदापुर में 16, मलाजखंड में 15.2, रायसेन में 15, दमाेह में 12, सीधी में 10.8, नरसिंहपुर में छह, उज्जैन में 4.6, खरगाेन में 4.2, रीवा में 2.4, रतलाम में दाे, इंदौर में 1.2, धार में 0.6, सतना में 0.4 मिलीमीटर बारिश हुई है। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक मंगलवार काे राजधानी का न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जाे सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस कम रहा। साथ ही यह साेमवार के न्यूनतम तापमान 24.2 डिग्री सेल्सियस की तुलना में एक डिग्री सेल्सियस कम रहा। साेमवार काे शहर का अधिकतम तापमान 27.7 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया था। जाे सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस कम रहा था। यह रविवार के अधिकतम तापमान 33.5 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले 5.8 डिग्री सेल्सियस कम रहा था। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी ममता यादव ने बताया कि मानसून पूरी तरह सक्रिय हाे गया है। वहीं हरदा में भी भारी बारिश का दौर जारी है।  हरदा में पिछले एक दिन से लगातार रुक  रूककर बारिश हो रही है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 July 2022

bjp sankalp patr #bhopal #bjp #sankalppatr

  *भोपाल नगरनिगम का संकल्प पत्र जारी* प्रदेश कार्यालय में वरिष्ठ नेताओं ने किया संकल्प पत्र का विमोचन   (लोकेन्द्र पाराशर) प्रदेश मीडिया प्रभारी          भोपाल नगर का घोषणा पत्र जनता के प्रति भारतीय जनता पार्टी का संकल्प है। संकल्प पत्र पार्टी की विचारधारा और कार्यकर्ताओं द्वारा लिये गये संकल्प का वचन पत्र है। पार्टी संकल्प पत्र के आधार पर ही काम करती है। भोपाल के पूर्व महापौर श्री आलोक शर्मा के कार्यकाल में शहर के विकास की जो गति थी उसे और आगे बढ़ाना, प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की सरकारों द्वारा विभिन्न प्रकार के प्रोजेक्ट के लिए जो फंड जारी किया गया है, उन योजनाओं को तेजी से प्रारंभ करवाना, क्रियान्वयन करना, विकास करना, गरीब कल्याण के काम करना इन बातों को ध्यान में रखकर घोषणा पत्र बनाया गया है। संकल्प पत्र को बनाने से पहले भोपाल में रहने वाले सभी वर्गों के नागरिकों से सुझाव आमंत्रित किए गए। सुझावों का संकल्प पत्र में समावेश किया गया है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं नगरीय निकाय चुनाव संचालन समिति के प्रदेश संयोजक श्री उमाशंकर गुप्ता ने सोमवार को प्रदेश कार्यालय में भोपाल नगरनिगम के संकल्प पत्र के विमाचन अवसर पर पत्रकार बन्धुओं से चर्चा करते हुए कही। संकल्प पत्र का विमोचन पार्टी के वरिष्ठ नेता श्री उमाशंकर गुप्ता, प्रदेश शासन के मंत्री श्री विश्वास सारंग, प्रदेश उपाध्यक्ष श्री आलोक शर्मा, श्रीमती सीमा सिंह जादौन, प्रदेश महामंत्री व सांसद सुश्री कविता पाटीदार, सांसद साध्वी प्रज्ञासिंह, विधायक श्री रामेश्वर शर्मा, विधायक श्रीमती कृष्णा गौर, महापौर प्रत्याशी श्रीमती मालती राय, प्रदेश मंत्री श्री राहुल कोठारी, जिला अध्यक्ष श्री सुमित पचौरी, प्रदेश प्रवक्ता श्री दुर्गेश केसवानी, श्री विकास बोंद्रिया एवं श्री कृष्णमोहन सोनी ने किया।   श्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि संकल्प पत्र में भोपाल राजा भोज संग्रहालय की स्थापना, रानी कमलापति महल का कायाकल्प एवं भारत माता मंदिर परिसर का निर्माण, भोपाल में गौ विश्रामघाट एवं गौशालाओं का निर्माण, छोटे तालाब से खटलापुर तक स्टील केबल स्टे ब्रिज का निर्माण, निजी कालोनियों में बल्क नल कनेक्शन के स्थान पर व्यक्तिगत नल कनेक्शन प्रदान किया जायेगा। भोपाल में लीकेज के कारण पानी की बर्बादी न हो, इस दृष्टि से स्काडा के जरिए लीकेज रोके जाएंगे। इसके साथ ही नागरिकों की असुविधा को ध्यान में रखकर कवर्ड मीट मार्केट का निर्माण किया जाना। पुरानी नवबहार सब्जी मण्डी की भूमि पर फल, आधुनिक मण्डी का निर्माण एवं शहर के प्रमुख बाजारों को अत्याधुनिक और सुव्यवस्थित बनाया जाना। भोपाल को वाटर प्लस शहर बनाने, कोकता ट्रान्सपोर्ट नगर एवं बाग सेवनियाँ में अत्याधुनिक बस डिपो का निर्माण, सीएनजी बसों के संख्या बढ़ाना शामिल है। श्री गुप्ता ने कहा कि पार्टी संकल्प पत्र में भोपाल नगरीय क्षेत्र के समस्त नागरिकों को राज्य सरकार की विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है। भोपाल के चिन्हित वार्ड्स को जीरो बेस्ट वार्ड बनाने का काम किया जाएगा। इसे चरणबद्ध रूप से शेष वार्डो में भी लागू किया जाएगा। पर्यावरण की दृष्टि से शहर में हरियाली बढ़ाने के लिए पौधारोपण किया जाएगा। विद्युत खर्च को कम करने के लिए नगर निगम की सभी इमारतों पर सोलर प्लांट लगाए जाएंगे। भवन स्वामी यदि अपनी छतों पर यदि सोलर सिस्टम लगाते है तो ऐसे भवन स्वामियों को संपत्ति कर में रियायत दी जाएगी। भोपाल को स्वच्छता में देश का नम्बर 1 शहर बनाने एवं स्वच्छतम राजधानी का खिताब बरकरार रखने के लिए मिशन मोड में कार्य किया जाएगा। हमारी महापौर श्रीमती मालती राय समय-समय पर भोपाल के नागरिकों से चर्चा करेंगी, सुझाव आमंत्रित करेंगी, उनकी समस्याओं को सुनेंगी और आवश्यकता अनुरूप शहर के विकास को एक नया स्वरूप देंगी। इसी संकल्प के साथ भोपाल के नागरिकों से अपील है कि भारतीय जनता पार्टी के महापौर प्रत्याशी सहित पार्षद प्रत्याशियों को समर्थन दें और प्रचण्ड बहुमत से विजयी बनायें।     

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 July 2022

नेहा बग्गा neha bagga

  नेहा बग्गा देश में हम आजादी के 75 वर्ष मना रहे हैं और इस अमृत महोत्सव में एनडीए की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के चयन से पूरे देश में खुशी का माहौल है। मध्यप्रदेश ही नहीं,  जनजाति समाज ही नहीं अपितु पुरे देश को आज गर्व की अनुभूति हो रही है। देश के इतिहास में यह पहली बार होगा जब कोई पूर्व पार्षद राष्ट्रपति बनने के बेहद करीब पहुंच गया है। राष्ट्रपति प्रत्याशी के रूप में द्रौपदी मुर्मू के चयन ने भले ही उन लोगों को चौंका दिया हो, जो राष्ट्रपति पद को एक विशेष दायरे में सीमित करके देखते हैं। लेकिन भाजपा संसदीय दल का यह निर्णय वास्तव में जनजातियों और महिलाओं के सशक्तीकरण की दिशा में भाजपा की नीतियों का ही प्रतिबिंब है।  ओडिशा में जन्मी द्रौपदी मुर्मू ने भुवनेश्वर स्थित रमादेवी महिला कॉलेज से स्नातक की डिग्री (बीए) हासिल की। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत बतौर शिक्षक के रूप में की,  फिर वह राजनीति में आ गईं। साल 1997 में पार्षद के रूप में मुर्मू ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की। इसके 3 साल बाद 2000 में पहली बार विधायक बनीं और फिर भाजपा-बीजेडी सरकार में दो बार मंत्री भी रहीं। बाद में मुर्मू झारखंड की राज्यपाल बनीं और इस प्रदेश की पहली महिला राज्यपाल भी बनीं। यही नहीं वह देश के किसी भी प्रदेश की राज्यपाल बनने वाली देश की पहली आदिवासी महिला नेता भी हैं। ओडिशा के मयूरभंज जिले से ताल्लुक रखने वाली द्रौपदी मुर्मू झारखंड की पहली महिला आदिवासी राज्यपाल बनीं और सबसे लंबे समय तक इस पद पर रहीं। झारखंड की राज्यपाल रहते हुए पक्ष और विपक्ष दोनों ही उनकी कार्यशैली के मुरीद रहे। उन्होंने ओडिशा के सर्वोत्तम विधायक को दिया जाने वाला नीलकंठ पुरस्कार भी हासिल किया है। इस पद से रिटायर होने के बाद ओडिशा के मयूरभंज जिले के रायरंगपुर में रह रही हैं। द्रौपदी मुर्मू अपनी साफ छवि और बेबाक फैसलों के लिए जानी जाती हैं। इनकी निजी जिंदगी भले ही त्रासदियों से भरी रही हो, लेकिन देश के इस सबसे बड़े पद पर उनका नामांकन होना ये साबित करता है कि वह मुश्किल हालातों से निपटना बखूबी जानती हैं। भारतीय जनता पार्टी ने सदैव सबका साथ सबका विकास और सबके प्रयासों के साथ समाज के वंचित पीड़ित शोषित वर्गों को प्रतिनिधित्व दिलवाने के लिए अनेकों काम किए हैं और योजनाएं चलाई हैं। चाहे विधायिका और मंत्रिमंडलों में महिलाओं, पिछड़ों और आदिवासियों की संख्या की बात हो, या फिर 26 जनवरी की परेड हो, भाजपा की नीतियां सरकार के निर्णयों से छलकती रही हैं। बीते वर्षों में आदिवासियों और महिलाओं के हितों में भाजपा की केंद्र और राज्य सरकारों ने जो निर्णय लिए हैं, जो काम किए हैं, वो अभूतपूर्व हैं। पार्टी के इन निर्णयों और कामों में मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार की अग्रणी भूमिका रही है। लाड़ली लक्ष्मी योजना से लेकर भगवान बिरसा मुंडा के जन्मदिवस को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाने के निर्णय तक पूरे देश के लिए अनुकरणीय रहे हैं।  मध्यप्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है, जहां निकाय व स्थानीय पंचायत के चुनाव में महिलाओं की भागीदारी को सुनिश्चित करने के लिए 50% का आरक्षण दिया और आज जब हम चुनावी मैदान में है तो यह देखने को मिलता है कि महिलाएं लगभग 80% के आसपास आज चुनावी रण में है। यह समाज और प्रदेश के लिए अत्यंत सौभाग्य का विषय है की ग्रहणी से लेकर फाइटर जेट तक मध्य प्रदेश की बेटियां लगातार अपने पंख फैला रही हैं। मध्यप्रदेश से पिछले दिनों राज्यसभा की दोनों सीटों पर दो महिला प्रत्याशियों को निर्विरोध चयन कर सर्वोच्च सदन राज्यसभा में भेजा गया है। जिसमें सुमित्रा वाल्मिकी देश की पहली वाल्मिकी समाज से आने वाली सांसद बनी,  वहीं पिछड़ा वर्ग से कविता पाटीदार को राज्यसभा भेजा गया। यह मध्यप्रदेश में महिला सशक्तीकरण के लिए किए जा रहे प्रयासों का ही नतीजा है कि आज 42 लाख लाडली लक्ष्मी मध्यप्रदेश में हैं और बेटी और बेटों का अनुपात जो पहले 1000 बेटों पर 912 था अब 970 हो गया है।  चाहे महिला सशक्तीकरण हो या जनजातीय अस्मिता के गौरव को पुनर्स्थापित करना हो इस दिशा में जितने कार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में पिछले 8 सालों में हुए हैं वो पहले कभी नहीं हुए। द्रौपदी मुर्मू जी को राष्ट्रपति प्रत्याशी नामांकित किए जाने का ये निर्णय मोदी जी के महिला व जनजातीय कल्याण के उसी अटूट संकल्प का प्रतिबिंब है। द्रौपदी मुर्मू ने अभी तक अपने सभी दायित्वों को बहुत अच्छे से निभाया है चाहे वह शिक्षक का हो,  संगठन का हो, जनप्रतिनिधि का या फिर राज्यपाल का। आशा की जानी चाहिए कि देश के सर्वोच्च पद पर पदस्थ होकर वे इस भूमिका में भी नए कीर्तिमान बनाएंगी।  लेखक भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता हैं

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 July 2022

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा कार्ययोजना बनायें

  अपने बूथ पर पार्टी के पक्ष में 51 प्रतिशत मतदान करवाना है   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा बूथ विस्तारक अभियान में हमने प्रत्येक बूथ को जीतने और नगर विजय का संकल्प लिया था। उसे बूथ पर चरितार्थ करने का समय आ चुका है। हर वोट भाजपा को मिले इसकी कार्ययोजना बनाएं और उसे पूरा करने में जुट जाएं। उन्होंने  आडियो के माध्यम से ग्वालियर, जबलपुर, भोपाल, इंदौर, खंडवा, बुरहानपुर, छिंदवाड़ा एवं उज्जैन नगर निगम के त्रिदेव  से संबोधित किया।  उन्होंने कहा मतदान के दिन पार्टी की विजय का माहौल बूथ पर बनना चाहिए। शर्मा ने कहा कि हमें प्रत्येक बूथ पर माइक्रो मैनेजमेंट करना है। बूथ के पन्ना प्रमुख और बूथ समिति का प्रत्येक कार्यकर्ता सक्रिय रहे। बूथ के सारे कामों की निगरानी बूथ के त्रिदेव संभालें। उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव में हमें बूथ के जो वोट नहीं मिले, इस बार वे मिलें, उसके लिए क्या प्रयास हो सकता है? छह और 13 जुलाई को मतदान होगा, प्रत्येक बूथ पर इसके पहले की व्यापक तैयारियों में जुट जाएं। उन्होंने कहा कि वर्षा होने के कारण मतदान प्रभावित न हो, इसके लिए हमें अपने बूथ पर रहने वाले बुजुर्गों को मतदान केंद्र तक ले जाना है। अपने परिवार के सदस्यों के वोट पहले डलवाएं। पार्टी समर्थक वोट डालने से वंचित न रहे इस बात पर बूथ टोली विशेष ध्यान दें। हमें इस बार अपने बूथ पर पार्टी के पक्ष में 51 प्रतिशत मतदान करवाना है। गौरतलब है कि बीजेपी ने चुनाव प्रचार में पूरा दम लगाकर रखा है।  नगरीय निकाय चुनाव में बूथ स्तर को मजबूत किया जा रहा है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 July 2022

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इंदौर पहुंचे

  सीएम शिवराज ने की बीजेपी को वोट देने की अपील   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इंदौर पहुंचे। मदन महल गार्डन में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इंदौर अद्भुत शहर है। पूरी दुनिया में इंदौर का स्वछता के लिए नाम है । जनभागीदारी के लिए प्रधानमंत्री भी इंदौर का उदाहरण देते हैं। मेरे भी सपनों का शहर है। इंदौर प्रदेश  के विकास का इंजन है। इंजन ठीक चलेगा तो गाड़ी ठीक चलेगी। कांग्रेस गई गुजरी पार्टी हो गई है। तुष्टिकरण की पार्टी है कांग्रेस है। राजस्थान में आतंकियों ने गला रेत दिया। महाराष्ट्र में भी यही हुआ है। भाजपा राष्ट्रवादी पार्टी है, हम राष्ट्रवादी सोच के साथ विकास करेंगे। उन्होंने कहा उदयपुर की घटना तुष्टिकरण का ही परिणाम है। सीएम शिवराज बहनों का हक कोई नहीं ले सकता - कमलनाथ ने संबल योजना बंद कर दी थी। हम बहनों को 16 हजार देते थे। कमलनाथ मेरी बहनों ने तुम्हारा क्या बिगाड़ा था। अब फिर मामा आ गया है, मेरी बहनों का हक कोई नहीं ले सकता। किसी भी बच्चे का एडमिशन मेडिकल या इंजीनियर कालेज में होता है तो उसकी फीस मामा भरवाएगा। लाड़ली लक्ष्मी-2 योजना हम लेकर आए हैं। सरकारी योजना में जिनके नाम नहीं जुड़े हैं सभी पार्षद उनके नाम जुड़वाएं। इसके बाद राहुल गांधी नगर में सीएम ने कहा कि क्षेत्र के विकास के लिए भाजपा के महापौर व पार्षद को विजय बनाएं। इस मौके पर सीएम शिवराज ने कई जगह रैली की और लोगों से बीजेपी को वोट देने की अपील की।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 July 2022

kamal nath congress

बीजेपी के पेट में दर्द क्यों ?    राम के नाम पर वोट मांगकर सत्ता में आई बीजेपी को इन दिनों रामभक्त हनुमान से क्यों परहेज हो रहा है ?     मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव और नगरीय निकाय चुनावों के लेकर जारी राजनीतिक सरगर्मी के बीच छिंदवाडा में वायरल हो रहे एक पोस्टर में हनुमान जी के साथ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और राज्य के पूर्व सीएम कमलनाथ की तस्वीर को देख बीजेपी के नेता भड़क गए और इसकी शिकायत चुनाव आयोग से कर दी है।        बताया जा रहा है कि नगर निगम चुनाव के बीच छिन्दवारा में एक पोस्टर तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें  हनुमान जी की एक बड़ी तस्वीर नजर आ रही है। इस वायरल पोस्टर में हनुमान चालीसा की एक चौपाई भी लिखी हुई है। इस पोस्टर में पूर्व मुख्यमंत्री एवं हनुमान मंदिर के निर्माण कर्ता कमलनाथ के साथ उनके सांसद पुत्र नकुलनाथ और जिले से पार्टी के मेयर प्रत्याशी विक्रम अहाके की तस्वीर भी नजर आ रही है।     मध्यप्रदेश की राजनीति में आने के वर्षों पूर्व कमलनाथ ने छिंदवाडा के सिमरिया में एक विशाल हनुमान मंदिर का निर्माण कराया है जिसमें हनुमान जी की 101 फीट ऊंची विशाल मूर्ति बनवाई गई थी। वायरल पोस्टर में दिख रही तस्वीर उसी मूर्ति की है। भाजपा को कांग्रेस का यह पोस्टर ज्यादा रास नहीं आया है। भाजपा का कहना है कि कांग्रेस निकाय चुनाव में हनुमान जी के नाम पर वोट मांग रही है।  भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह से कार्रवाई करने की अपील की है। राज्य निर्वाचन आयोग में शिकायत करते हुए पार्टी ने कहा है कि कांग्रेस द्वारा लगातार आचार संहिता का उल्लंघन किया जा रहा है। भाजपा ने कांग्रेस नेताओं के चुनाव प्रचार करने पर तत्काल प्रतिबंध लगाने की भी मांग की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 July 2022

bhupendra gupta agam congress

    भूपेन्द्र गुप्ता 'अगम'   महाराष्ट्र के महामंथन के बाद जो अमृत और जहर निकल कर सामने आये हैं, उसने भारत की आर्थिक राजनीति पर नियंत्रण करने की भाजपा की कशमकश को उजागर कर दिया है। इतना ही नहीं सैकड़ों वर्ष पुरानी हिंदू पदपाद शाही और पेशवाई के द्वंद भी सामने ला दिए हैं । इस महाभारत में  अमृत मंथन के जो परिणाम सामने आए हैं वे ना केवल चौंकाने वाले हैं बल्कि राजनैतिक विवशता की पराकाष्ठा को व्यक्त करते हैं। सभी जानते हैं कि देवेन्द्र फडनवीस 5 साल तक मुख्यमंत्री रह चुके हैं और वे स्वयं ही शिवसेना के विद्रोही नेता एकनाथ शिंदे को उप-मुख्यमंत्री बनाने के ऑफर दे रहे थे। अचानक उन्ही फड़नवीस को विद्रोही एकनाथ शिंदे का उप-मुख्यमंत्री  बनाकर भाजपा ने यह स्पष्ट कर दिया है कि अब वह कैडर आधारित पार्टी नहीं रही है, बल्कि पूर्णरूपेण राजनीतिक पार्टी बन गई है।सत्ता के लिए उसे किसी भी तरह के समझौते करने से कोई गुरेज नहीं है। आवश्यकता पड़ने पर वह आतंकवाद की पोषक  बताई जाने वाली पार्टी पीडीपी के साथ भी  सत्ता में भागीदार बनने  तैयार हैं। अपने ही एक सीनियर पूर्व मुख्यमंत्री को अल्पमत के विद्रोहियों के नीचे उप मुख्यमंत्री बनाने भी तैयार है। यह एक संदेश है कि कार्यकर्ता केवल कार्यकर्ता ही है और सत्ता प्राप्ति के लक्ष्य मार्ग में अगर उसकी गर्दन कटती है तो पार्टी दुश्मन को भी अपना बनाने तैयार है। सभी जानते हैं कि महाराष्ट्र में अन्य पिछड़ा वर्ग बहुत शक्तिशाली है छोटी-छोटी अन्य पिछड़ा वर्ग की जातियां ना केवल लड़ाकू है बल्कि सैन्य संरचना और साहस को समझती हैं और  शिवसेना प्रतीक रूप में उनकी पहचान बन चुकी है ।छत्रपति शिवाजी ने जिन पिछड़ी जातियों को जोड़कर अपनी राज्य व्यवस्था कायम की थी लगभग वही जाति संतुलन शिवसेना के गठन में परिलक्षित होता है ।अगड़ी जातियों द्वारा आर्थिक राजधानी पर कब्जा करने की नीयत से दिल्ली की सहायता से मुंबई पर जो हमला किया है उसे यह पिछड़ी जातियां किस सीमा तक सहन करेंगीं यह समय के गर्भ में है। किंतु यह तो साफ ही है कि भविष्य में अगड़ी और पिछड़ी का संघर्ष आर्थिक राजधानी से ही शुरू होगा । बहुत संभव है कि शिवसेना इसे मराठी मानुस और गुजराती अर्थ सत्ता के संघर्ष में बदल दे। अगर ऐसा हुआ तो भारत के सामने एक नया अर्थ संकट खड़ा होने जा रहा है। शिवसेना सरकार के पतन और एकनाथ की ताजपोशी को अर्थ जगत ने कैसे लिया है इसका प्रमाण है कि दो दिन में ही सेंसेक्स लगभग एक हजार प्वाइंट नीचे आ गया और जून का महीना खुदरा निवेशकों के लिये लुटने का जून हो गया है।   विद्रोही एकनाथ शिंदे ने बहुत ही सफाई से इस गठबंधन को हिंदुत्व का पैरोकार बता कर  दलबदल की अनैतिकता पर पर्दा डालने की कोशिश की है। यह मुंबई में सभी जानते हैं कि भाजपा के साथ पिछली पंचवर्षीय सरकार में जब शिवसेना शामिल थी तब एकनाथ शिंदे ने ही सार्वजनिक कार्यक्रम में अपना इस्तीफा देकर शिवसेना पर भाजपा गठबंधन से निकलने का दबाव बनाया था। उनका कहना था कि भा ज पा शिवसेना को खाने की चेष्टा कर रही है और उद्धव ठाकरे को भाजपा से गठबंधन तोड़ लेना चाहिए ।आखिर कब तक शिवसैनिक भाजपा की प्रताड़ना और भेदभाव पूर्ण व्यवहार को सहन करें ।आज वही एकनाथ शिंदे उसी भाजपा से कथित हिंदुत्व के नाम पर समझौता कर रहे हैं,बल्कि महाविकास अघाड़ी  की नैतिकता पर प्रश्नचिन्ह लगा रहे हैं। देश के लगभग सभी दल जिन्होंने समय-समय पर भाजपा के साथ गठबंधन किया था यह मानते हैं कि भाजपा हमेशा सबसे पहले अपने ही गठबंधन के सहयोगियों को  खाने की कोशिश करती है। पूर्व में चाहे बसपा रही हो, चाहे अकाली दल या नीतीश कुमार की पार्टी हो सभी पार्टियां लगभग समाप्त हो रहीं हैं,उनकी लीडरशिप का बड़ा हिस्सा भाजपा में जुड़ चुका है।  ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस और बी जे डी जरूर ऐसी पार्टियां हैं जो  हाथ छुड़ाकर ना भागीं होतीं तो वे भी  शिवसेना की तरह विभाजन की पीड़ा से गुजर रहीं होतीं।उन्होंने मगरमच्छ के मुंह से बाहर निकल कर जान तो बचा ली है मगर भाजपा अपना अपमान और लक्ष्य नहीं भूली होगी यह भी तय है।  तात्कालिक सत्ता के लिये  अल्पमत के नीचे बहुमत होते हुए भी भाजपा काम करने तैयार  है। याद कीजिए यही समझौता बिहार में हुआ था जहां अल्पमत के नीतीश कुमार तो मुख्यमंत्री हैं और बहुमत की भाजपा का उपमुख्यमंत्री। सत्ता के लिये महाराष्ट्र का ताजा सौदा भले ही भाजपा के लिये आर्थिक राजधानी के खजाने के दरवाजे खोल दे मगर आने वाले समय में उसके कार्यकर्ताओं का खजाना भी लुट सकता है,यह भी संभावना है। महाराष्ट्र का यह महाभारत अभी तक राजनीति के गलियारों में था आगे चलकर इस महाभारत के समाज में उतरने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता और उसी अग्निपथ पर आर्थिक राजधानी का भविष्य निर्भर होगा।फिलहाल तो राजनीति बारूद के ढेर पर बैठकर अगरबत्ती सुलगा  रही है।   (लेखक कांग्रेस नेता एवं स्वतंत्र पत्रकार हैं)

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 July 2022

शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत निजी स्कूलों में प्रवेश

  25 फीसद सीटों पर प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया जारी शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत निजी स्कूलों में 25 फीसद सीटों पर प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया जारी है। आवेदन के लिए गुरुवार तक अंतिम तारीख थी। अभी तक गुरुवार तक प्रदेश के 26 हजार स्कूलों में दो लाख 74 हजार सीटों के लिए अब तक एक लाख 76 हजार 447 आवेदन आए हैं। वहीं अब तक आधे से कम सत्यापन हुए हैं, यानि 45 प्रतिशत आवेदकों का सत्यापन हो पाया है। सत्यापन की संख्या कम होता देखते हुए राज्य शिक्षा केंद्र ने आवेदन की तारीख बढ़ाकर पांच जुलाई कर दिया है। वहीं नौ जुलाई तक दस्तावेजों का सत्यापन होगा। अभी तक एक जुलाई तक सत्यापन करना था। इस संबंध में राज्य शिक्षा केंद्र ने आदेश जारी कर दिया है। जारी आदेश में यह लिखा है कि नगर निकाय चुनाव में सत्यापन अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। इस कारण कई आवेदकों का दस्तावेजों का सत्यापन नहीं हे पाया है। यही कारण है कि आवेदन और सत्यापन की तारीख बढ़ाई जा रही है। इसमें सबसे अधिक भोपाल जिले में लगभग 17 हजार आवेदन और सत्यापन नौ हजार हुए है। वहीं इंदौर में लगभग 12 हजार आवेदन और छह हजार सत्यापन हुए हैं।  राज्य शिक्षा केंद्र के संचालक ने गुरुवार को सभी जिलों के जिला परियोजना समन्वयकों को निर्देश जारी कर सत्यापन कार्य तेजी से करने के निर्देश दिए हैं, ताकि पात्र आवेदक लाटरी पद्धति में शामिल हो सकें।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 June 2022

गृहमंत्री ने कहा पहली बार हिंदुत्व के नाम पर सरकार गिरी

  संजय राउत आपके विधायक अगवा नहीं भगवा हो गए   मध्य प्रदेश के गृहमंत्री डा. नरोत्तम मिश्रा ने महाराष्ट्र की  सियासी उठापटक को लेकर कहा कि महाराष्ट्र वह राज्य है जहां पहली बार हिंदुत्व के नाम पर कोई सरकार गिरी है। संजय राउत आपके विधायक अगवा नहीं भगवा हो गए थे। हनुमान चालीसा का ही प्रभाव है ‌कि चालीस दिन में चालीस विधायक चले गए। उन्होंने कहा कि रहीम का दोहा सुनाते हुए कहा, कदली, सीप, भुजंग-मुख,स्वाति एक गुन तीन। जैसी संगति बैठिए, तैसोई फल दीन॥ कांग्रेस की संगत में जो आता है वो साफ हो जाता है। उद्धव ठाकरे कांग्रेस के संपर्क ‌में आए तो उनकी पार्टी ही साफ हो गई। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि उदयपुर में में कन्हैया लाल की निर्मम हत्या करने वाले आतंकियों का कनेक्शन मध्य प्रदेश से नहीं है। हत्याकांड में इस्लामी संगठन दावत-ए-इस्लामी के कनेक्शन की बात सामने आई है, संगठन की गतिविधियों पर नजर रखने के निर्देश डीजीपी और इंटेलिजेंस को दिए गए हैं। मिश्रा ने कहा कि छतरपुर में बोरवेल में गिरे मासूम दीपेंद्र यादव का अनूठे तरीके से सकुशल‌ रेस्क्यू करने वाले टीआई अनूप यादव और एएसआई दीपक यादव को पुरस्कृत किया जाएगा। खुले बोरवेल‌ में रस्क्यू का खर्चा अब बोरवेल का मालिक देगा।  गौरतलब है कि बोरवेल में आये दिन ऐसी घटनाएं बढ़ती जा रही है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 June 2022

भाजपा में शामिल होने का निमंत्रण अरुण ने ठुकराया

  अरुण यादव ने कहा कांग्रेस सरकार के साथ आएगी  सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को खंडवा में पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव को भाजपा में आने का निमंत्रण दिया। जिसपर उन्होंने  पलटवार किया है। आर्यन यादव ने कहा कि हम सत्ता में जरूर आंएगे पर भाजपा के साथ नहीं कांग्रेस की सरकार बनाकर आएंगे। कांग्रेस ने मुझे औश्र मेरे परिवार को बिना मांगे ही बहुत कुछ दिया है। आपने कांग्रेस के एक छोटे से कार्यकर्ता को सत्ता में आमंत्रित किया, उसके लिए धन्यवाद। प्रदेश कांग्रेस द्वारा यादव की ओर से बयान जारी कर कहा कि हम सत्ता में कमल नाथ के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार बनाकर आएंगे। कांग्रेस हमारे लिए मां है। इसने मेरे पिता को विधायक, सांसद, मंत्री, उप मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जैसे पदों पर सुशोभित किया। मुझे सांसद, केंद्रीय मंत्री, पार्टी का राष्ट्रीय सचिव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सहित महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां दीं। छोटे भाई सचिन याव को विधायक और मंत्री बनाया। अपने राजनीतिक और व्यावसायिक हितों के लिए पार्टी से धोखा की सोच हमारे परिवार की नहीं है। अरुण यादव ने भाजपा के निमंत्रण को साफ़ तौर पर इंकार कर दिया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 June 2022

कांग्रेस ने जारी किया अपना संकल्प पत्र

   महापौर स्वास्थ्य योजना की होगी शुरूआत  नगरीय निकाय चुनाव में महापौर और पार्षद चुनाव के बीच पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ के आवास पर संकल्प पत्र घोषित किये गए। इस मौके पर महापौर प्रत्याशी विभा पटेल, वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी सहित अन्य की मौजूदगी में संकल्प पत्र जारी करते हुए तमाम घोषणाएं की हैं। इसमें विभा पटेल और कांग्रेस ने शहवासियों से वादा किया है कि यदि वह उनको महापौर के रूप में चुनते हैं तो शहर को धूल मुक्त और नगर निगम को भूल मुक्त बनाएंगी। वहीं जल व्यवस्था के लिए बड़े तालाब, कोलार से पानी आपूर्ति व्यवस्था को नर्मदा जल की पाइप लाइन से जोड़कर प्रत्येक क्षेत्र में पर्याप्त पानी पहुंचाया जाएगा।  मेयर रोजगार योजना लाएंगे - इससे राजधानी के युवाओ को राजेगार मिल सकेगा। निजी कंपनियों के सहयोग से विधानसभा क्षेत्रों में रोजगार मेले लगाएंगे। नगर निगम में निर्माण, रखरखाव एवं सामग्री आपूर्ति में युवाओं को प्राथमिकता देंगे। कालोनियों में बल्क वाटर कनेक्शन के स्थान पर व्यक्तिगत कनेक्शन देकर पानी के बिल का बोझ कम करेंगे। हाथ ठेला लगाने वालों को स्थाई जगह दी जाएगी। हाथ ठेला लगाने दी जाएगी स्थाई जगह - शहर में विभिन्न स्थानों पर यहां-वहां हाथ ठेला लगाने वालों को स्थाई जगह उपलब्ध कराई जाएगी। सुविधाजनक स्थानों पर सब्जी मंडी एवं हाट बाजार विकसित किए जाएंगे। इसके लिए नई योजना बनाई जाएगी। वर्तमान में दुकानों के साइन बोर्डों का अधिक किराया लिया जा रहा है। इस किराए को कम किया जाएगा। मेयर हेल्पलाइन समस्याओं के निराकरण के लिए मेयर हेल्पलाइन शुरू की जाएगी । महापौर स्वास्थ्य योजना की शुरूआत की जाएगी। इसके तहत प्रत्येक वार्ड में स्वास्थ्य योजनाओं को पहुंचाया जाएगा। साथ ही हर घर का संपत्ति कर और पानी का बिल आधा करने के लिए संपत्ति कर एवं जल दर का युक्तियुक्तकरण कर जनता को राहत दिलाई जाएगी। पेयजल एवं सीवर की समस्या का योजनाबद्ध तरीके से हल किया जाएगा। 60 साल से अधिक उम्र के महिला एवं पुरुषों को संपत्ति कर में पांच प्रतिशत की छूट दी जाएगी। ईडब्ल्यूएस आवासों में 50 रुपये महीने पानी शुल्क लिया जाएगा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 June 2022

पीसीसी चीफ ने किया ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर में पूजन

   कमलनाथ ने प्रत्याशियों के जीत की प्रार्थना की  पीसीसी चीफ एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने मंगलवार सुबह ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर में पूजन किया। उन्होंने  नगरीय निकाय चुनाव में खड़े पार्टी के प्रत्यशियों की जीत के लिए प्रार्थना की। उनके साथ महापौर प्रत्याशी महेश परमार, घट्टिया के विधायक रामलाल मालवीय, पार्षद प्रत्याशी माया राजेश त्रिवेदी साथ थीं। वे लगभग 12 बजे शहीद पार्क पर रखी कांग्रेस की संकल्प सभा में सम्मिलित होंगे और पार्टी के महापौर व पार्षद प्रत्यशियों के समर्थन में जनता से वोट मांगेंगे। वे कांग्रेस का विजन और भारतीय जनता पार्टी की शिवराज सरकार की कमियां बताएंगे। कमलनाथ लगातार प्रत्याशियों के चयन से लेकर चुनाव प्रचार और अब उनके जीत के लिए प्रयास कर रहे हैं।  उन्होंने शिवराज सरकार पर नीतियों को लेकर कई सवाल खड़े  किये हैं।      

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 June 2022

96 सैंपल में 45 कोरोना पॉजिटिव

मास्क लगाने की अपील  इंदौर में कोरोना के 45 मरीज मिलने से चिंताएं बढ़ गई हैं। इस दिन सिर्फ 96 सैंपल जांचे गए थे। यानी 50 % संक्रमित मिले  है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि लोग न मास्क पहन रहे हैं न सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं। इस वक्त भी हम नहीं संभले तो हालात बिगड़ जाएंगे। कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी अगर अगले कुछ दिनों में यह आंकड़ा 100 के पार पहुंच जाए। जरूरी है कि हम कोरोना की गाइडलाइन का पालन करें। घर से बाहर निकलने पर मास्क पहनें और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें। सीएमएचओ डा.बीएस सैत्या ने शहरवासियों से अपील की है कि जिन लोगों ने सतर्कता डोज लगवाने के लिए पात्रता हासिल कर ली है यानी जिन्हें दूसरा टीका लगवाएं नौ माह या इससे अधिक समय हो चुका है, वे अनिवार्य रूप से कोरोना की सतर्कता डोज लगवा लें। फ्रंटलाइन कोरोना वर्करों को शासकीय अस्पताल में सतर्कता डोज निश्शुल्क लगाया जा रहा है। अन्य को इसके लिए आनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा। डा.सैत्या ने आमजन से अपील की है कि वे घर से बाहर निकलने पर अनिवार्य रूप से मास्क पहनें और थोड़ी-थोड़ी देर में सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते रहें। कोरोना को लेकर प्रशासन लगातार चेतावनी दे रहा है।  सबसे मास्क लगाने के साथ कोरोना नियमों का पालन करने की अपील अपील की जा रही है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 June 2022

सीएम करेंगे खिलाड़ियों का सम्मान

  रणजी में मप्र ने जीत हासिल की  मध्यप्रदेश रणजी क्रिकेट ने जोरदार प्रदर्शन करते हुए जीत हासिल की।  करीब  22 साल बाद एक बार फिर से  रणजी टीम दूसरी बार फायनल में पहुंची और उसका मैच शुरू होने से लेकर खेल के अंतिम दिन तक प्रदर्शन अच्छा रहा। इससे सभी को उम्मीद हो गई थी कि टीम इस बार मजबूत समझी जाने वाली मुंबई की टीम को हराकर ट्राफी पर कब्जा कर लेगी। सुबह से ही क्रिकेट प्रेमी और शहर के लोग टीवी पर चल रहे मैच पर नजरें गड़ाए बैठे रहे। जैसे ही टीम ने मुंबई के टारगेट 107 रन को चेस किया, वैसे ही सभी ने खुशियां मनाना शुरू कर दिया। हालांकि शहर के लोग इसलिए थोड़ा मायूस थे क्योंकि शहर के दो खिलाड़ी अंकित शर्मा व विक्रांत भदौरिया रणजी टीम मेंहैं, लेकिन वे प्लेइंग इलेवन के सदस्य नहीं थे। बावजूद इसके उनके जोश में कोई कमी नहीं थी। क्याेंकि प्रदेश की टीम पहली बार रणजी ट्राफी को जीती थी। ट्राफी खेल चुके शहर के क्रिकेटर, ग्वालियर संभागीय क्रिकेट संघ पदाधिकारी एवं क्रिकेटर खुशी मनाने के साथ ही टीम मध्यप्रदेश की जीत के लिए प्रार्थना भी करते रहे। अब जीत को लेकर ग्वालीर  खिलाड़ियों में ख़ुशी का माहौल है।  सभी जगह बधाइयां दी जा रही हैं।  उधर सीएम शिवराज ग्वालियर  खिलाड़ियों को सम्मानित करेंगे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 June 2022

शिक्षा के रास्ते मिलेगी कामयाबी की मंजिल

  देश के हर बच्चे का शिक्षा पाना वाकई बहुत जरूरी   स्कूलों में नया सत्र शुरू हो गया है। बच्चों को शिक्षा से जोड़ने के लिए सरकारी मशीनरी गांवों और बस्तियों तक पहुंचकर हर बच्चे को स्कूल में प्रवेशित करने के प्रयास में लगी है। देश के हर बच्चे का शिक्षा पाना वाकई बहुत जरूरी है, क्योंकि शिक्षा वह शक्तिशाली हथियार है, जिसका उपयोग दुनिया को बदलने के लिए किया जा सकता है। इसलिए हम सबकी जिम्मेदारी है कि लक्ष्य की ओर बढ़ने वाले उम्मीदों के हर कदम को हम शिक्षा की राह दिखाएं। जिससे उनका भविष्य सुनहरा हो सके। यह खुशी की बात है कि हमारे देश के करीब 7 करोड़ बच्चे प्री प्रायमरी और प्रायमरी स्कूलों में जाते हैं लेकिन शिक्षा के लिए अभी ओर उचांईयों पर पहुंचना बाकी है। क्योंकि देश में 6 से 14 साल की आयु वर्ग के 60 लाख से अधिक बच्चे स्कूल नहीं जाते। पहली कक्षा में प्रवेश लेने के बाद 37 प्रतिशत बच्चे प्रारंभिक शिक्षा भी पूरी नहीं कर पाते और हाईस्कूल तक पहुंचते हुए तो यह संख्या चिंताजनक हो जाती है। स्कूल नहीं जाने वाले और स्कूल के बीच पढ़ाई छोड़ने वाले 75 फीसद बच्चे देश के छह राज्यों से आते हैं, इनमें से मध्यप्रदेश भी एक है। अन्य राज्यों में बिहार, ओड़िसा, राजस्थान, उत्तरप्रदेश और पश्चिम बंगाल शामिल हैं।सरकार ने बच्चों की शिक्षा के लिए शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू किया है। इस कानून के तहत शिक्षा निशुल्क भी है और अनिवार्य भी। मतलब 6 से 14 साल के बीच के बच्चे को शिक्षा से वंचित रखना कानूनन अपराध की श्रेणी में माना जाता है। शिक्षा के अधिकार के तहत सरकारी स्कूलों में तो शिक्षा, किताबें, ड्रेस और मध्याह्न भोजन निशुल्क मिलता ही है, साथ ही प्रायवेट स्कूलों पर भी यह नियम लागू होता है और वहां प्रारंभिक कक्षा में 25 प्रतिशत सीटें आरटीई के तहत आरक्षित की जाती हैं। जिससे वंचित वर्ग के बच्चों को निजी स्कूलों में भी निशुल्क शिक्षा का अधिकार मिल सके। शिक्षा के अधिकार के तहत सरकारी मशीनरी निजी स्कूलों में आरक्षित सीटोंर प्रवेश तो करा देती है लेकिन बाद में इन बच्चों की नियमितता की ओर न तो शिक्षा विभाग ध्यान देता है न ही निजी स्कूल का प्रबंधन। ग्रामीण व आदिवासी क्षेत्रों से पलायन, निजी स्कूलों से तालमेल नहीं बैठा पाना, परिवार में शिक्षा का माहौल नहीं मिलना और बाल मजदूरी जैसे कई कारणों से 34 प्रतिशत से अधिक बच्चे आरक्षित सीटों पर प्रवेश मिलने के बावजूद आठवीं कक्षा तक निशुल्क शिक्षा हासिल नहीं कर पाते। ऐसे में शिक्षा का अधिकार अनिवार्य न होकर अधूरा रह जाता है। च्चों को शिक्षा से जोड़ने के लिए उन्हें स्कूल भेजना तो जरूरी है लेकिन यह भी जरूरी है कि वहां उन्हें बेहतर माहौल मिल सके। आज कई जगह स्कूलों में व्यवस्थाएं बेहतर नहीं हैं, स्कूलों में सबसे जरूरी होते हैं शिक्षक लेकिन प्रदेश के 21077 स्कूल महज एक शिक्षक के भरोसे चल रहे हैं, प्रदेश में शिक्षकों के 87 हजार 630 पद खाली हैं। इस ओर भी ध्यान दिया जाना जरूरी है, तभी बच्चों को वास्तविक रूप से शिक्षा का अधिकार मिल सकेगा। बाॅक्स हम ऐसे निभाएं अपनी जिम्मेदारीहम गरीब व वंचित वर्ग के बच्चों की शिक्षा के लिए चिंतित होते हैं लेकिनहमें समझ नहीं आता कि किस प्रकार हम इनके लिए काम करें। इसके लिए मैं एकछोटा लेकिन महत्वपूर्ण सुझाव देना चाहूंगा। हम सब केवल यह पता करें हमारे घर व आॅफिस में काम करने वाले चैकीदार, माली, कामवाली बाई, रसोईया या अन्य कर्मियों के बच्चे स्कूल जा रहे हैं कि या नहीं। इनके बच्चों को स्कूल में प्रवेश कराने में मदद करें, निजी स्कूलों में आरटीई के तहत आरक्षित सीटों की जानकारी दें, अगर निजी स्कूलों में संभव न हो तो सरकारी स्कूल में निशुल्क प्रवेश कराएं, उन्हें किताबें-काॅपी, स्कूल ड्रेस या स्टेश्नरी क्रय करने के लिए आर्थिक सहयोग प्रदान करें। आपका यह योगदान आने वाले देश के भविष्य के लिए सुदृढ़ युवाओं का निर्माण करेगा। (प्रवीण कक्कड़)  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 June 2022

रणजी टीम को होगा भव्य स्वागत

   सीम ने दिया स्वागत  सन्देश   इतिहास में पहली बार मध्य प्रदेश रणजी टीम जीत को अपने नाम कर लिया है। बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में एमपी की टीम ने 41 बार की रणजी चैंपियन महाराष्ट्र की टीम को हरा दिया। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बधाई देते हुए कहा, रणजी ट्राफी 2022 फाइनल मैच में अपने अद्भुत और अद्वितीय खेल से मध्य प्रदेश की टीम ने न केवल शानदार जीत प्राप्त की है, बल्कि लोगों का हृदय भी जीत लिया। इस अभूतपूर्व जीत के लिए मध्य प्रदेश की टीम को हार्दिक बधाई देता हूं। आपकी जीत का यह सिलसिला अविराम चलता रहे, शुभकामनाएं। पहली बार कई बार की विजेता मुंबई को हराकर मध्य प्रदेश की टीम ने रणजी ट्राफी जीतकर कमाल कर दिया है। हम सब गदगद, प्रसन्न और भावविभोर है। मैं टीम के कोच चंद्रकांत पंडित, कप्तान आदित्य श्रीवास्तव को एवं समस्त टीम को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूं। रणजी ट्राफी जीतने वाली पूरी क्रिकेट टीम का मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में भव्य स्वागत व नागरिक अभिनंदन किया जाएगा। क्रिकेट का एक नया इतिहास रचने वाले हमारे क्रिकेट- वीर रणबाकुरों का भव्य स्वागत होगा।  सीएम ने हैलीकाप्टर में बैठकर सन्देश भी दिया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 June 2022

पंचायत चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान हुआ

  मतदातों ने अपने मताधिकार का उपयोग किया   मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान हुआ। करीब एक करोड़ 49 लाख 23 हजार 165 मतदाता 27 हजार 49 मतदान केंद्रों पर अपने मताधिकार का उपयोग किया। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ, जो दोपहर तीन बजे तक चला। इसके ठीक बाद मतदान केंद्र स्तर पर मतगणना प्रारंभ होने जा रही है। हालांकि, परिणामों की घोषणा 14 जुलाई को होगी। राज्‍य निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के मुताबिक दोपहर 1 बजे तक शुरुआती छह घंटे में प्रदेश में 49 प्रतिशत मतदान हो चुका था। मतदान को लेकर ग्रामीणों में खासा उत्‍साह देखा जा रहा है। सुबह सात बजे से पहले ही मतदान केंद्रों पर लोगों की कतार लगनी शुरू हो गई थी। सात साल बाद हो रहे इस चुनाव में लोग अपने गांव की सरकार चुनने को लेकर खासे उत्‍सुक नजर आए।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 June 2022

बैतूल में सड़क हादसा पांच लोग घायल

  बाइक को टक्कर मारने के बाद खाई में गिरी कार      बैतूल-परतवाड़ा स्टेट हाइवे के ताप्ती घाट पर जीप बाइक को टक्कर मारने के बाद अनियंत्रित होकर सड़क किनारे खाई में गिर गई।  सागौन के बड़े पेड़ में जाकर टकराने से जीप गहरी खाई में नही पहुंची। दुर्घटना में जीप में सवार पांच लोग घायल हुए हैं, जिनमें से एक महिला और उसकी एक माह की बच्ची को ज्यादा चोट लगने से जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। बताया जा रहा है कि भैंसदेही से पांच लोग जीप में सवार होकर बैतूल के कोसमी जा रहे थे। खेड़ी सांवलीगढ़ के पास ताप्ती घाट में स्थित काली मंदिर के पास मोड़ में जीप ने बाइक को टक्कर मार दी। इसके बाद चालक ने जीप से नियंत्रण खो दिया और जीप लहराते हुए सड़क से उतरकर सीधे खाई में गिर गई। गनीमत रही कि खाई में जाकर जीप पेड़ से अटक गई। राहगीरों ने तत्काल ही डायल 100 और 108 एम्बुलेंस को सूचना देकर बुलवाया। इसके बाद बचाव कार्य प्रारंभ हुआ। खाई में पेड़ के सहारे अटकी जीप में से सभी सवारों को धीरे-धीरे बाहर निकाला गया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 June 2022

कोरोना के मिले 65 संक्रमित

  सतर्कता बरतने की लोगों से अपील   कोरोना के एक बार फिर बढे हुए आंकड़े आये हैं।  शुक्रवार को प्रदेश में कोरोना के 65 संक्रमित मिले हैं। लेकिन इसमें राहत की बात यह है कि शुक्रवार आई जांच रिपोर्ट में 95 संक्रमित मिले थे। इतने संक्रमितों की पहचान करीब तीन माह बाद हुई थी। जिससे लग रहा था कि प्रदेश में कहीं संक्रमण तेजी से बढ़ तो नहीं रहा है। स्वास्थ्य विभाग से लेकर हर कोई चिंतित था लेकिन शनिवार आई जांच रिपोर्ट से काफी राहत मिली है। आपको बता दें जून माह के पहले सप्ताह से प्रदेश में कोरोना संक्रमण इसी तरह बढ़-घट रहा है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की माने तो संक्रमण में औसतन बढ़ोतरी हो रही है। खासकर जो नए संक्रमित मिल रहे हैं उनमें से 75 प्रतिशत ऐसे हैं, जिन्हें कोरोना टीके की दोनों डोज लग चुकी है। विशेषज्ञों का कहना है कि यदि संक्रमण का स्तर बढ़ता है तो कोरोना टीके की दोनों डोज लगवाने वाले भी जद में होंगे। लेकिन सलाह दी जा रही है कि संक्रमण से बचने के लिए सतर्कता बरतें।  सब अपना ध्यान रखें। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 June 2022

मंत्री पटेल ने कराया था इंदौर में मासूम बच्चे का इलाज

  डेढ़ साल बाद नयापुरा गांव में हुआ बच्चे से सामना   भोपाल में कृषि मंत्री कमल पटेल ने अपने गृह जिले हरदा में जनता के लिए 24X7 अभियान यानी 24 घंटे सातों दिन मोबाइल के साथ चला रखा है। जिसमें वे गरीब, असहाय, बुजुर्ग और जरूरतमंद लोगों का अपनी स्वेच्छानुदान राशि से मुफ्त इलाज कराते हैं। हाथ, पैर, सिर के साथ कैंसर, दिल की जैसी गंभीर बीमारियों का इलाज वे इंदौर, भोपाल, दिल्ली और मुंबई, चेन्नई जैसे बड़े शहरों की अस्पतालों में करवाते हैं। अभी तक हरदा जिले के ऐसे कई गंभीर बीमारियों के प्रकरण हैं। जिन का इलाज हुआ और वह स्वस्थ होकर अपने घरों को लौट आए है। इनमें से एक प्रकरण एक ऐसे छोटे बच्चे का जिसका जन्म होते से ही उसके पैर पीछे की ओर थे। बच्चे का नाम मोक्ष दुबे हैं और वह हरदा जिले की तहसील हंडिया के नयापुरा गांव का रहवासी है। मंत्री पटेल के सामने जब यह प्रकरण आया तो उन्होंने तत्परता से बच्चे को इलाज के लिए इंदौर के यूनिक अस्पताल में भर्ती करवाकर उसका इलाज करवाया।अब बच्चा डेढ़ साल का हो चुका है, बच्चा मोक्ष दुबे अब पूरी तरीके से स्वस्थ है और ठीक तरीके से चलता फिरता भी है। क्षेत्र के दौरे पर जब कृषि मंत्री पटेल गुरुवार को नयापुरा गांव पहुंचे तो मोक्ष दुबे के पिता प्रमोद दुबे ने मंत्री पटेल को बताया कि यह वही बच्चा है। जिसका इलाज आपने करवाया है। मोक्ष अब आपके आशीर्वाद से चलने फिरने लगा है। गांव में मौजूद लोगों ने मंत्री पटेल को बच्चे के इलाज और तत्परता दिखाने के लिए धन्यवाद देते हुए उनका आभार माना।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 June 2022

सामाजिक परिवर्तन की संवाहक होंगी द्रौपदी मुर्मू

  बीजेपी ने दलित, आदिवासी महिलाओं को शीर्ष पर पहुंचाया    भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने जनजातीय गौरव द्रौपदी मुर्मू को भारत के सर्वोच्च राष्ट्रपति पद के लिये प्रत्याशी घोषित कर न केवल समाज के सभी वर्गों के प्रति सम्मान के भाव को पुनः सिद्द किया है अपितु कांग्रेस शासन के उस अंधे युग के अंत की भी घोषणा भी कर दी है, जिसमें सम्मान और पद‌ अपने-अपने लोगों को पहचान कर बांटे जाते थे। भारतीय लोकतंत्र में यह पहली बार होगा जब कोई आदिवासी और वह भी महिला इस सर्वोच्च पद को सुशोभित करेगी। भारतीय जनता पार्टी की सोच हमेशा से ही भेदभाव रहित, समरस तथा समानतामूलक समाज की स्‍थापना की रही है। भाजपा को अपने शासन काल में तीन अवसर प्राप्त हुए और तीनों अवसरों पर उसने समाज के तीन अलग-अलग समुदायों से राष्ट्रपति का चयन किया। सर्वप्रथम अल्पसंख्यक वर्ग से महान वैज्ञानिक और कर्मयोगी डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम, फिर दलित समुदाय के माननीय श्री रामनाथ कोविंद जी और अब जनजातीय समुदाय से माननीया श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी। हमें यह कहते हुये प्रसन्‍नता है कि अभी हाल ही में सम्‍पन्‍न हुए राज्‍यसभा के लिए चुनाव में मध्‍यप्रदेश से हमने दो बहनों को राज्‍यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित किया है जिसमें वाल्‍मीकि समाज की बहन सुमित्रा वाल्‍मीकि भी हैं। भारतीय जनता पार्टी अद्वैत दर्शन के एकात्म मानववाद को मानती है, जिसमें कहा गया है - 'तत्‍वमसि' अर्थात् 'तू भी वही है'। पं. दीनद‌याल उपाध्याय का एकात्म मानव दर्शन भी अद्वैत पर ही आधारित है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का 'सबका साथ, सबका विकास' का संकल्प भी एकात्म मानववाद की भावना से ही निकला हुआ है। मोदी जी के नि‍र्णयों में उनकी दूरदृष्टि और संवेदनशीलता हर भारतीय को स्‍पष्‍ट महसूस होती है। मुझे याद आता है कि द्रौपदी मुर्मू जी को उड़ीसा विधानसभा में सर्वश्रेष्ठ विधायक के सम्मान से सम्‍मानित किया था और इस सम्मान का नाम था - नीलकंठ सम्मान। द्रौपदी मुर्मू समाज में सेवा का अमृत बांटती रही हैं। उड़ीसा के बैदापैसी आदिवासी गांव में जन्मीं द्रौपदी मुर्मू जी ने अपने जीवन में कठोरतम परीक्षायें दी हैं। उनके विवाह के कुछ वर्ष बाद ही पति का देहान्त हुआ और फिर दो पुत्र भी स्वर्गवासी हो गये। उन्‍होंने विपरीत आर्थिक परिस्थितियों में संघर्ष का मार्ग चुना और अपनी एक मात्र पुत्री के पालन पोषण के लिये शिक्षक और लिपिक जैसी नौकरियां कीं। उन्‍होंने कड़ी मेहनत से पुत्री को योग्य बनाया। जनसेवा की भावना से ओतप्रोत द्रौपदी जी ने रायरंगपुर नगर पंचायत में पार्षद का चुनाव जीत कर सक्रिय राजनीति की शुरूआत की। वे भाजपा के अनुसूचित जनजाति मोर्चा से जुड़ी रहीं और राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सदस्य भी रहीं। उड़ीसा में बीजू जनता दल एवं भाजपा की सरकार में मंत्री रहीं और 2015 में झारखण्ड की पहली महिला राज्यपाल बनीं। आदिवासी हितों की रक्षा के लिये वे इतनी प्रतिबद्ध रहीं कि तत्कालीन रघुवरदास सरकार के आदिवासियों की भूमि से संबंधित अध्यादेश पर इसलिये हस्ताक्षर नहीं किये क्‍योंकि उन्‍हें संदेह था कि इससे आदिवासियों का अहित हो सकता है। वे किसी भी प्रकार के दबाव के आगे नहीं झुकीं। यही कारण है कि उड़ीसा में लोग उन्‍हें आत्‍मबल, संघर्ष, न्‍याय तथा मूल्‍यों के प्रति समर्पित ऐसी सशक्‍त महिला के रूप में देखते हैं जिनसे समाज के लोग प्रेरणा लेते हैं।  भारतीय जनता पार्टी, प्राचीन भारत में महिलाओं, दलितों और आदिवासियों को जो गौरव और सम्‍मान प्राप्‍त था उसे पुनर्स्‍थापित करना चाहती है। विदेशी आक्रान्‍ताओं और स्‍वतंत्रता के पश्‍चात स्‍वार्थी राजनीतिक दलों ने इन वर्गों को सेवक या वोट बैंक बना दिया था, भाजपा उन्‍हें पुन: सामाजिक सम्‍मान और आत्‍मगौरव प्रदान करना चाहती है। हम चाहते हैं कि भारत में फिर अपाला, घोषा, लोपामुद्रा, गार्गी, मैत्रेयी जैसी महिलाओं के ऋषित्‍व की पूजा हो। मनुष्‍य का जन्‍म से नहीं, कर्म से मूल्‍यांकल हो, जैसे वाल्‍मीकि, कबीर या रैदास का होता रहा है। सामाजिक सोच और व्‍यवहार में महिलाओं, आदिवासी और दलितों को पर्याप्‍त सम्‍मान प्राप्‍त हो। इसी लक्ष्‍य को सामने रख कर श्री रामनाथ कोविंद या श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जैसे इन वर्गों के नेताओं को शीर्ष सम्‍मान देना भारतीय जनता पार्टी का उद्देश्‍य रहा है।  भारतीय जनता पार्टी सत्‍ता में केवल शासन करने के लिये नहीं है। हमारा उद्देश्‍य है कि भ्रमित हो चुकी सामाजिक सोच को सही दिशा दी जाये। हम भारतीय आदर्श जीवन मूल्यों को पुनर्स्‍थापित करने के लिये सत्‍ता में हैं। हम ऋग्‍वेद के इस मंत्र कि "ज्योति‍स्‍मत: पथोरक्ष धिया कृतान्" अर्थात् जिन ज्योतिर्मय (ज्ञान अथवा प्रकाश) मार्गों से हम श्रेष्ठ करने में समर्थ हों सकते हैं, उनकी रक्षा की जाये। हम सम भाव को शिरोधार्य करते हैं और ज्योतिर्मय मार्गों की रक्षा के लिये वचनबद्ध हैं। हम राजनीतिक आडम्बर के माध्‍यम से भोली और भावुक जनता को भ्रमित करने वाले लोगों से जनता को बचाने और उसे अंधेरे कूप से निकालने और गिरने वालों को रोकने के लिये प्रतिबद्ध हैं। हम जनता को वहां से बचाना चाहते हैं, जहां परिवारवाद का अजगर कुण्डली मार कर उनका शोषण करने को जीभ लपलपा रहा है। जहां लोकतंत्र का सामन्तीकरण हो गया है और ठेके पर राजनीतिक जागीरें दी जा रही थीं। अब वह समय चला गया जब चापलूसी करने वालों को सम्मानों और पुरस्कारों से अलंकृत किया जाता था। स्‍वामी विवेकानन्द का राष्ट्रोत्‍थान का आह्वान "उत्तिष्ठ जाग्रत प्राप्य वरन्निबोधत'' हमारे प्राणों में गूंजता है। हम इसे जन-जन की रक्‍त वाहिनियों में प्रवाहित होने वाले रक्त की ऊष्‍मा बना देना चाहते हैं।  भारतीय जनता पार्टी ने न केवल दलित, आदिवासी और महिलाओं को शीर्ष पद पर पहुंचा कर इन वर्गों का सम्मान किया है अपितु राष्ट्र के सर्वोच्च पद्‌द्म सम्मानों को भी ऐसे लोगो के बीच पहुचाया जो उनके सच्चे हकदार थे। मोदी जी ने अपनी दूरदृष्टि से वास्‍तविक लोगों को पहचाना। अब पद्म पुरस्कार राष्ट्र की संस्कृति, परंपरा और प्रगति के लिये महान कार्य करने वाले वास्तविक व्‍यक्तियों, तपस्वियों, साहित्यकारों, कलाकारों और वैज्ञानिकों को दिये जा रहे हैं। पिछले पद्‌म सम्मान समारोह में, 30 हज़ार से अधिक पौधे लगाने और जड़ी बूटियों के पारंपरिक ज्ञान को बांटने वाली कर्नाटक की 72 वर्षीय आदिवासी बहन तुलसी गौड़ा को दिया गया। उन्‍हें नंगे पांव पद्‌म पुरस्कार लेते देखकर किसका मन भावुक नहीं हुआ होगा? किसका मस्तक गर्व से ऊंचा नहीं हुआ होगा? हजारों लावारिस लाशों का अंतिम संस्कार करने वाले अयोध्या के भाई मोहम्मद शरीफ हों या फल बेच कर 150 रुपये प्रतिदिन कमा कर भी अपनी छोटी सी कमाई से एक प्रायमरी स्कूल बना देने वाले मंगलोर के भाई हरिकेला हजब्बा हों, क्या ये पहले कभी पद्म पुरस्कार पा सकते थे। आदिवासी किसान भाई महादेव कोली, जिन्‍होंने अपना पूरा जीवन देशी बीजों के संरक्षण एवं वितरण में लगा दिया, उन्‍होंने कभी पद्‌म पुरस्कार की कल्पना भी की होगी क्‍या ? जनजातीय परंपराओं को अपनी चित्रकारी में उकेरने वाली हमारे मध्य प्रदेश की बहन भूरी बाई हों या मधुबनी पेंटिंग कला को जीवित रखने वाली बिहार की बहन दुलारी देवी या कलारी पयट्टू नामक प्राचीन मार्शल आर्ट्स को देश में जीवित रखने वाले केरल के भाई शंकर नारायण मेनन या गांवों और झुग्‍गी बस्तियों में घूम-घूम कर सफाई का संदेश देने और सफाई करवाने वाले तमिलनाडु के भाई एस. दामोदरन, मध्‍यप्रदेश के बुन्‍देलखण्‍ड के श्रीराम सहाय पाण्‍डे इनमें से किसी के बारे में पहले हम लोग सोच भी नहीं सकते थे कि उन्हें पद्म सम्‍मान मिलेगा, किन्तु इन सभी भाई-बहनो को पद्म पुरस्‍कार मिले, क्योंकि यह भाजपा सरकार राष्ट्रवाद की जड़ों को सींचने वालों की पहचान करना और उन्हें सम्मानित करना अपना कर्तव्य समझती है। अब सम्मान मांगे नहीं जाते हैं अब सम्मान स्वयं योग्‍य लोगों तक पहुंचते हैं, ऐसे लोग जो उसे पाने के अधिकारी हैं, फिर चाहे वे कितने ही सुदूर क्षेत्र में गुमनाम जीवन ही क्‍यों न बिता रहे हों।   राष्ट्रपति का चुनाव हो अथवा पद्म पुरस्कारों का वितरण, मोदी जी की दूरदृष्टि, संवेदनशीलता उन्हें राजनीतिक समझौतों या स्वार्थों से बाहर निकालकर पवित्रता प्रदान करती है। भाजपा दलित, आदिवासी या महिलाओं को सम्‍मान देकर उन्‍हें उनके वास्तविक हकदारों तक पहुंचाकर समाज को जागृत करने और एक वैचारिक सामाजिक क्रांति करने का प्रयत्न कर रही है। जागृत जनता ही श्रेष्ठ राष्‍ट्र का, श्रेष्‍ठ भारत का निर्माण कर सकती है। ऐतरेय ब्राह्मण में सदियों पूर्व लिख दिया गया था- राष्‍ट्रवाणि वैविश: अर्थात् जनता ही राष्ट्र को बनाती है। द्रौपदी मुर्मू का राष्ट्रपति बनना भाजपा द्वारा समस्त आदिवासी और महिला समाज के भाल पर गौरव तिलक लगाने की तरह है। हमें अभी तक उपेक्षित और शोषित रहे वर्ग को समर्थ तथा सशक्त बनाना है। एक आदिवासी महिला का राष्ट्रपति बनना सामाजिक सोच को अंधकार से निकालकर प्रकाश में प्रवेश कराना है। मेरा दृढ़ विश्‍वास है कि राष्ट्रपति के रूप में द्रौपदी मुर्मू भारतीय सांस्कृतिक मूल्यों की संरक्षक और आदिवासी उत्थान की प्रणेता बनेंगीं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 June 2022

डॉ रचना को प्रतिष्ठित मानव भूषण पुरस्कार

  गोवा - न्यू थिंक इमेज अवार्ड समारोह   गोवा - न्यू थिंक इमेज अवार्ड समारोह और राष्ट्रीय शिखर सम्मेलन में डॉ रचना परमार को प्रतिष्ठित मानव भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया। ये समारोह 19 जून, 2022 को गोवा में आयोजित किया गया था। उन्हें राष्ट्रीय आर्थिक और सामाजिक विकास में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए डॉ. दिनेश उपाध्याय, सदस्य निदेशक आयुष मंत्रालय, सीसीआरवाईएन और श्रीमती अरेफा कछवाला, अधीक्षक, सेंट्रल  जीएसटी महाराष्ट्र द्वारा पुरस्कार मिला। कई गणमान्य व्यक्तियों ने अपनी उपस्थिति से कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। समारोह के दौरान डॉ रचना ने कहा कि विश्वास और विज्ञान इन दोनों के समावेश से संतुलित जीवन जिया जा सकता है क्यूंकि धर्म और आस्था एक व्यक्ति को जीवन जीने की प्रेरणा देती है, और जीवन को किस तरह जीया जाये, उसका नाम विज्ञान है।   डॉ रचना इंदौर की निवासी हैं। वो डॉक्टर ऑफ अल्टरनेट मेडिसिन, काउंसलर और अकल्ट कंसल्टेंट हैं। विज्ञान के क्षेत्र में उनकी उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए उन्हें कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है। वह अपने आर्गेनाइजेशन, काउंसलिंग माइंड के माध्यम से वो लम्बे समय से बच्चों, छात्रों, कॉरपोरेट्स समेत सभी आयु वर्गों को व्यक्तिगत प्रशिक्षण कार्यक्रम के साथ-साथ तनाव प्रबंधन, लक्ष्य निर्धारण, करियर परामर्श, व्यवहार परामर्श आदि के लिए परामर्श प्रदान कर रही है और लोगो को सुखी, स्वस्थ, और खुशहाल जीवन प्रेरणा दे रही हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 June 2022

Dr rachna parmar डॉ रचना परमार

 न्यू थिंक इमेज अवार्ड समारोह और राष्ट्रीय शिखर सम्मेलन में डॉ रचना परमार को प्रतिष्ठित मानव भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया। ये समारोह 19 जून, 2022 को गोवा में आयोजित किया गया था। उन्हें राष्ट्रीय आर्थिक और सामाजिक विकास में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए डॉ. दिनेश उपाध्याय, सदस्य निदेशक आयुष मंत्रालय, सीसीआरवाईएन और श्रीमती अरेफा कछवाला, अधीक्षक, सेंट्रल  जीएसटी महाराष्ट्र द्वारा पुरस्कार मिला। कई गणमान्य व्यक्तियों ने अपनी उपस्थिति से कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। समारोह के दौरान डॉ रचना ने कहा कि विश्वास और विज्ञान इन दोनों के समावेश से संतुलित जीवन जिया जा सकता है क्यूंकि धर्म और आस्था एक व्यक्ति को जीवन जीने की प्रेरणा देती है, और जीवन को किस तरह जीया जाये, उसका नाम विज्ञान है।   डॉ रचना इंदौर की निवासी हैं। वो डॉक्टर ऑफ अल्टरनेट मेडिसिन, काउंसलर और अकल्ट कंसल्टेंट हैं। विज्ञान के क्षेत्र में उनकी उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए उन्हें कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है। वह अपने आर्गेनाइजेशन, काउंसलिंग माइंड के माध्यम से वो लम्बे समय से बच्चों, छात्रों, कॉरपोरेट्स समेत सभी आयु वर्गों को व्यक्तिगत प्रशिक्षण कार्यक्रम के साथ-साथ तनाव प्रबंधन, लक्ष्य निर्धारण, करियर परामर्श, व्यवहार परामर्श आदि के लिए परामर्श प्रदान कर रही है और लोगो को सुखी, स्वस्थ, और खुशहाल जीवन प्रेरणा दे रही हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 June 2022

निजी विश्वविद्यालयों को RTI के तहत जानकारी देना बाध्य नहीं

  जबलपुर हाई कोर्ट ने दी एक आदेश में व्यवस्था     मध्य प्रदेश की जबलपुर हाई कोर्ट ने एक आदेश में व्यवस्था दी है कि निजी विश्वविद्यालयों को RTI अधिनियम के अंतर्गत जानकारी देने बाध्य न किया जाए। न्यायमूर्ति संजय द्विवेदी की एकल पीठ ने मुख्य सूचना आयुक्त के आदेश पर अंतरिम रोक लगा दी। याचिकाकर्ता निजी विश्वविद्यालयों की ओर से अधिवक्ता सिद्धार्थ राधेलाल गुप्ता और आशीष मिश्रा ने अपना पक्ष रखा।उन्होंने दलील दी कि प्राइवेट  विश्वविद्यालय केंद्र या राज्य सरकार से किसी भी तरह का वित्तीय सहायता या शासकीय अनुदान प्राप्त नहीं करते हैं। इस वजह से उन्हें सूचना के अधिकार में लोक सूचना अधिकारी को नियुक्त करने बाध्य करना किसी भी व्यक्ति द्वारा दाखिल आवेदन को स्वीकार कर सूचना प्रदान करने के लिए बाध्य करना अनुचित है। राज्य के मुख्य सूचना आयुक्त द्वारा आदेश पारित कर के यह कहा था कि प्रदेश भर के निजी विश्वविद्यालय न केवल लोक सूचना अधिकारी नियुक्त करने अपितु सूचना के अधिकार में मांगी जाने वाली सभी जानकारियों को सार्वजनिक करने हेतु बाध्य हैं। इसी रवैये के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई है। राज्य सूचना आयोग की ओर से अधिवक्ता जय शुक्ला ने पैरवी की। अधिवक्ता अरुण जैन ने उपभोक्ता आयोग से संबंधित समस्याएं दूर करने पर बल दिया है। पूर्व में कई बार शिकायत के बावजूद समस्या यथावत है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 June 2022

1 जून से अब तक 3 इंच बारिश

  बारिश के स्थान पिछले साल की तुलना में बदले  मानसून के चलते मध्यप्रदेश में 1 जून से अब तक 3 इंच बारिश हो चुकी है। जिससे जून का  कोटा पूरा हो चुका है। पिछले साल 1 जून से 30 जून तक प्रदेशभर में सामान्य से 35% तक ज्यादा बारिश हुई थी। जून 2021 में भोपाल में सामान्य से 143%, इंदौर में 8% ज्यादा पानी गिर गया गया था। लेकिन, इस बार भोपाल में अब तक 2 इंच बारिश ही हुई है, जो जून के कोटे से 1 इंच यानी 30% कम है। इंदौर में 3 इंच की जगह 2 इंच भी पानी नहीं गिरा। यह सामान्य से करीब 41% कम है। सबसे ज्यादा श्योपुर में सामान्य से 190% ,और विदिशा में 100% ज्यादा पानी गिर चुका है। श्योपुर में डेढ़ इंच की तुलना में 4 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है। विदिशा में 3 इंच बारिश होना चाहिए थी, लेकिन अब तक 6 इंच बारिश हो चुकी है। अब तक प्रदेश के सिर्फ 15 शहरों में ही सामान्य या उससे अधिक बारिश हुई है।मंडला और सतना में 1-1 इंच पानी गिर चुका था। भोपाल और खंडवा में आधा-आधा इंच बारिश हुई। धार, गुना, रतलाम, मलजखंड, सागर, खरगोन, इंदौर, उज्जैन, राजगढ़ और ग्वालियर में कहीं-कहीं हल्की बूंदाबांदी हुई।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 June 2022

द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के चुनाव में  प्रत्याशी बनाए जाने का जश्न

  सीएम शिवराज ने कहा भारत के इतिहास में पहली बार हुआ  एनडीए की ओर से द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के चुनाव में  प्रत्याशी बनाए जाने पर भाजपा प्रदेश कार्यालय  में विशेष कार्यक्रम का आयोजन हुआ। जिसमे  प्रधानमंत्री एवं पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा के प्रति आभार व्‍यक्‍त किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पार्टी के प्रदेशाध्‍यक्ष विष्‍णुदत्‍त शर्मा समेत मध्य प्रदेश के सभी आदिवासी जनप्रतिनिधि और पार्टी पदाधिकारी शामिल हुए। कार्यक्रम के दौरान सीएम शिवराज और पार्टी के अन्‍य नेता आदिवासी रंग में रंगे नजर आए। कार्यक्रम के लिए मंच पर पहुंचने से पूर्व सीएम शिवराज और वीडी शर्मा आदिवासी लोक-कलाकारों के साथ जनजातीय लोक-संगीत की धुनों पर उनके साथ खूब नाचे। इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में जनजातीय वर्ग की महिला द्रौपदी मुर्मू देश के सर्वोच्च पद का दायित्व मिला है। कांग्रेस ने जनजातीय वर्ग का केवल शोषण किया है, उन्हें केवल वोट बैंक का साधन माना है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार और मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार मिलकर जनजातीय वर्ग को उनका सम्मान दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है। भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में जनजातीय गौरव दिवस मनाया गया।  मध्यप्रदेश में धीरे-धीरे पेसा एक्ट लागू किया जा रहा है। जनजातीय वर्ग के सर्वांगीण कल्याण के लिए भाजपा सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है। द्रौपदी मुर्म के राष्ट्रपति प्रत्याशी बनने को लेकर भाजपा में ख़ुशी का माहौल है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 June 2022

विदिशा में हुआ भीषण सड़क हादसा

  घायलों को इलाज के लिए भर्ती कराया गया    विदिशा में भीषण सड़क हादसा हो गया। के ग्यारसपुर थाना क्षेत्र में बुधवार सुबह एक भीषण सड़क हादसा हो गया। ग्राम पीपलखेड़ी के पास नेशनल हाइवे 146 पर दो अलग-अलग बरात में जा रही कारें आमने-सामने भिड़ गईं। टक्‍कर इतनी जबर्दस्‍त थी कि दोनों ही कारें बुरी तरह क्षतिग्रस्‍त हो गईं। हादसे में चार लागों की मौत हो गई, जबकि 10 घायल हैं। मृतकों में एक बुजुर्ग पति -पत्नी, एक किशोरी और ड्राइवर शामिल हैं। ये चारों इंदौर के पास महू के रहने वाले थे। घायलों में 8 लोगों को ज्‍यादा चोटें आई हैं, जिन्‍हें मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं दो लोगों को मामूली चोट लगी।कुछ लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 June 2022

सीएम शिवराज की नलजल को लेकर समीक्षा

  समय पर योजना को पूरा किया जाय     मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को मुख्यमंत्री आवास में आयोजित जल जीवन मिशन की समीक्षा  की। उन्होंने कहा जल जीवन मिशन में संचालित गतिविधियों को समय सीमा में पूरा कराने के लिए पर्याप्त तकनीकी अमला उपलब्ध कराया जाएगा। मध्य प्रदेश के हर घर में नल से जल पहुंचाना सरकार की प्रतिबद्धता है। इस काम में विलंब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और न ही गुणवत्ता से कोई समझौता स्वीकार होगा। समय सीमा में काम पूरा कराएं। निर्माण एजेंसियों को उनकी क्षमता के अनुसार ही काम दिया जाए और इसकी नियमित निगरानी भी हो। यह निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को मुख्यमंत्री आवास में आयोजित जल जीवन मिशन की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन में संचालित गतिविधियों को समय सीमा में पूरा कराने के लिए पर्याप्त तकनीकी अमला उपलब्ध कराया जाएगा। जहां जल स्रोत कमजोर हों, वहां उसे समृद्ध करने के लिए जलाभिषेक अभियान में विशेष प्रयास किए जाएं। इस दौरान अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश के 51 हजार 585 ग्रामों में जल जीवन मिशन के तहत पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित की जानी है। 39 हजार 565 ग्रामों के लिए स्वीकृतियां जारी की जा चुकी हैं। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को जल प्रदाय योजनाओं की प्रगति और पूर्णता की संभावित तिथि की माहवार जानकारी देने के निर्देश दिए। बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्यमंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मलय श्रीवास्तव सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद रहे। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 June 2022

खंडवा में पुलिस हिरासत में वृद्ध की मौत

चोरी के मामले में पुलिस ने किया था गिरफ्तार  चोरी  के मामले में बंद आरोपित की पुलिस हिरासत में  मौत से हंगामा हो गया।  बाइक चोरी के मामले में कोतवाली पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गए 60 वर्षीय वृद्ध की मौत हो गई। पुलिस ने वृद्ध को कुछ 2 दिन पहले हिरासत में लिया था। घटना की जानकारी लगने पर पुलिस अधीक्षक कोतवाली थाने पहुंचे। कोतवाली पुलिस की हिरासत में भगवान पुत्र राम सिंह निवासी इनपुट पुनर्वास की मौत हुई है। बताया जाता है कि कोतवाली पुलिस ने उसे बाइक चोरी के मामले में गिरफ्तार किया था। जेल परिसर, रेलवे स्टेशन, जिला न्यायालय परिसर और अन्य स्थानों से चुराई हुई बाइक जब तक की थी। इस मामले में पुलिस संभवतः आज खुलासा करने वाली थी। लेकिन सुबह अचानक उसकी तबीयत खराब हो गई बताया जाता है कि उसे उल्टी हुई थी जिसके बाद पुलिसकर्मी उसे अस्पताल लेकर पहुंची। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 June 2022

MPPSC प्री परीक्षा में कश्मीर के सवाल पर बवाल

  दो पेपर सेटर को नोटिस , विपक्ष ने खड़े किये सवाल  19 जून को हुई MPPSC  प्रारंभिक परीक्षा में कश्मीर को लेकर पूछे गए एक सवाल पर  बवाल मच गया ।  इस मुद्दे पर सियासत गरमा गई है। इस पर विपक्ष सवाल खड़े कर रहा है।  वहीं मामले में सरकार ने पेपर सैटर को डिबार कर दिया है।   सरकार ने प्रश्‍न पत्र सेट करने वालों को नोटिस जारी कर इसके बारे में जबाल तलब कर लिया गया। गृहमंत्री डां नरोत्‍तम मिश्रा ने  कहा कि प्रश्नपत्र तैयार करने वाले दो लोग थे। एक मप्र के हैं और दूसरा महाराष्ट्र का है। पीएससी ने पेपर सेट करने वाले दो लोगों को डिबार कर दिया है। इसकी जानकारी पूरे देश में दे दी गई है कि पीएससी इनसे कोई भी काम नहीं ले। पीएससी और उच्च शिक्षा विभाग को कार्रवाई के लिए पत्र लिखा है।आपको बता दें कि  प्रारंभिक परीक्षा में एक प्रश्‍न पूछा गया था कि क्या कश्मीर को पाकिस्तान को सौंप दिया जाए? इसमें परीक्षार्थियों को प्रश्‍न के साथ दो तर्क भी दिए गए। पहला हां, क्योंकि यह भारत के पैसे बचाएगा और दूसरा विकल्प था नहीं, क्योंकि इससे और अधिक मांगें उठेंगी। इसके आधार पर परीक्षार्थियों से जवाब देने के लिए कहा गया। अब सवाल के लिए तर्क भी अजीब रहे।  तर्क 1. हां, इससे भारत का बहुत सारा धन बचेगा। तर्क 2. नहीं, इस तरह के निर्णय से इसी तरह की अन्‍य मांगें बढ़ जाएंगी। उत्तर- ए- तर्क 1 मजबूत है। बी- तर्क 2 मजबूत होता है। सी- तर्क 1 और तर्क 2 दोनों मजबूत हैं। डी- तर्क 1 और 2 दोनों ही मजबूत नहीं हैं। विपक्षी दल कांग्रेस ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार के सरंक्षण में लोक सेवा आयोग जैसे संवैधानिक संस्थान में देश को बांटने और कश्नीर को पाकिस्तान को दिए जाने जैसे मुद्दे पर रायशुमारी की जा रही है। मामले में मप्र लोकसेवा आयोग इस मामले पर रक्षात्मक रवैया अपना रहा है। मप्र लोकसेवा आयोग ने मंगलवार को सार्वजनिक सूचना जारी कर दी। आयोग ने कहा कि कश्मीर पर पूछा गया प्रश्न स्वत: संज्ञान लेते हुए परीक्षा से विलोपित कर दिया गया है। इस प्रश्न को निर्धारित करने वाले पेपर सेटर पर आयोग गोपनीय रूप से कठोर कार्रवाई कर रहा है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 June 2022

सीएम शिवराज ने  विद्यार्थियों के साथ किया योग

  सीएम ने की घोषणा मप्र में  बनेगा योग आयोग   विश्व योग दिवस के  मौके पर मध्यप्रदेश में योग आयोग बनेगा। इसकी पूरी तैयारी कर ली है, जल्द ही कार्य शुरू कर दिए जाएंगे। साथ ही स्कूलों में भी योग की शिक्षा दी जाएगी। इससे बच्चों को लाभ मिलेगा। यह घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मंगलवार को मुख्यमंत्री निवास स्थित पंडाल में आयोजित कार्यक्रम के दौरान की। सीएम शिवराज ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि रोज अपने लिए 45 मिनट का समय निकालें। योग का मतलब शरीर का व्यायाम नहीं है, बल्कि मन, बुद्धि, तन आदि का शुद्धिकरण है। प्रणायाम से अपनी सांस पर नियंत्रण कर सकते हैं और शरीर को अपने अनुकूल बना सकते हैं। शिवराज ने  कहा कि पिछले साल कोविड में  योग और प्रणायाम से इसपर नियंत्रण पाया गया। मैं भी कोविड संक्रमित हुआ, लेकिन योग से उस पर जल्द नियंत्रण पाया । मेरा आक्सीजन लेवल भी सामान्य रहा। योग से  फेफड़ों तक कोविड पहुंचा ही नहीं।उन्होंने बताया कि  दूसरी लहर आई तो हमने तय किया कि आइसोलेशन वाले मरीजों को आनलाइन योग करवाया जाए। इससे कई लोग घर में स्वस्थ हो गए। इसका फायदा भी मिला। कई कोविड के मरीज काढ़ा से ठीक हुए। उसमें गिलोय आदि कई जड़ी-बूटियां होने के कारण रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा रहा और लोग स्वस्थ हैं। उन्होंने कहा आप  कुछ चुने हुए आसन करें, प्रणायाम करें , स्नान कर ध्यान करें ,  प्रार्थना जरूर करें

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 June 2022

भारत बंद को लेकर स्टेशन की सुरक्षा बढ़ी

  यात्री आशंका पर रेल सुविधा नंबर 139, 100 की मदद ले      अग्निपथ योजना को लेकर बवाल अभी थमा नहीं है।  भारत बंद के आह्वान के बीच रेलवे  स्टेशन की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया।  भोपाल सहित मंडल के सभी स्टेशनों पर सोमवार सुबह से तगड़ी सुरक्षा देखी गई  है। आरपीएफ, जीआरपी के अलावा स्थानीय पुलिस की मदद ली जा रही है। भोपाल स्टेशन पर तो स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों को भी तैनात किया है। स्टेशन से होकर गुजरने वाले प्रत्येक यात्रियों से पूछताछ की जा रही है। इस तरह रानी कमलापति, इटारसी, बीना, गुना, संत हिरदाराम नगर, हरदा, होशंगाबाद समेत सभी स्टेशनों पर चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था है। प्रदर्शन के बीच यात्रियों में भय का माहौल बना हुआ है। जिसके कारण कुछ यात्री यात्रा करने से पीछे हट रहे हैं। प्रदर्शन की आशंका को देखते हुए  रेलवे ने सभी स्टेशनों की सुरक्षा बढ़ाई है। आपको बता दें प्रदर्शन की आशंका के चलते भोपाल समेत प्रमुख स्टेशनों पर रविवार को एक साथ फ्लैग मार्च किया था।जिसमें स्टेशन परिसर, प्लेटफार्म, कालोनियों में सुरक्षा बलों ने मार्च किया था। प्रशिक्षित श्वानों के साथ गश्त भी की थी। अनाउंसमेंट कर यात्रियों कोा सुरक्षा का भरोसा दिया था। यह भी कहा था कि भयमुक्त हाेकर यात्रा करें।  रेलवे ने किसी भी तरह की गड़बड़ी और आशंका होने पर यात्रियों को डायल नंबर दिए हैं। यात्रियों को ट्रेन में सफर करते समय कोई भी अप्रिय स्थिति का अंदेशा हो या स्टेशनों के आसपास लोगों के जुटने की जानकारी मिले तो रेल सुविधा नंबर 139, 100 डायल, नजदीकी आरपीएफ थाना, जीआरपी थाना, पुलिस थाना, रेलवे के अधिकृत ट्विटर हैंडल पर जानकारी दे सकते हैं। वहीं इस पर सियासत भी थमती नजर नहीं आ रही।  भारत बंद को लेकर बीजेपी ने कांग्रेस पर निशाना साधा है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 June 2022

मंत्री नरोत्तम मिश्रा का भारत बंद को लेकर कांग्रेस पर तंज

  अपने 'वीर जी' को बचाने प्रियंका वाड्रा अग्निवीर का सहारा ले रहीं    गृहमंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने अग्निपथ योजना के विरोध में बुलाए गए भारत बंद पर राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा पर निशाना साधा है।  उन्होंने कहा  कि अपने 'वीर जी' को बचाने के लिए प्रियंका वाड्रा अग्निवीर का सहारा ले रहीं हैं। मध्य प्रदेश में  भारत बंद का कोई असर नहीं है। 'अग्निपथ' को लेकर जो भ्रम फैलाया‌ जा रहा है, उसे रक्षा मंत्रालय ने आधिकारिक बयान देकर दूर कर दिया है। कांग्रेस के बुजुर्ग नेता युवाओं को आगे नहीं आने दे रहे हैं। इसलिए नगरीय निकाय चुनाव में बुजुर्ग कांग्रेस के खिलाफ युवा कांग्रेस ने बगावत कर दी है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा गृहमंत्री ने कहा कि बालाघाट जिले के बहेला थाना इलाके में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में 3 इनामी नक्सली मारे गए हैं। हाक फोर्स ने मुठभेड़ में नक्सलियों के डिवीजनल कमेटी के मेंबर और 15 लाख के इनामी नक्सली नागेश और 8-8 लाख के इनामी एरिया कमांडर नक्सली मनोज और रामे को ढेर किया है। मिश्रा ने पूरी पुलिस टीम को बधाई दी है ।नगरीय निकाय चुनाव को लेकर उन्होंने कहा कि  मध्य प्रदेश भाजपा सभी नगर निगमों में जीत दर्ज करने जा रही है। पूरी पार्टी एकजुट होकर चुनाव लड़ रही है। पार्टी संगठन ने टिकटों को लेकर भी अपनी राय स्पष्ट कर दी है। कोरोना को लेकर उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण के 71 नए केस आए हैं, वहीं 56 मरीज ठीक हुए हैं। वर्तमान में प्रदेश में कुल एक्टिव केस 435, संक्रमण दर 0.98 प्रतिशत और रिकवरी रेट 98.70 प्रतिशत है।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 June 2022

सीएम शिवराज सिंह का कांग्रेस पर निशाना

  कांग्रेस ने अपराधियों को ही नेता जनप्रतिनिधि बनाया  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कांग्रेस ने अपराधियों को ही नेता जनप्रतिनिधि बनाने का काम किया है। बीजेपी साफ़ सुथरी  राजनीति की पक्षधर है। हमारे नेता पीएम  नरेंद्र मोदी और  हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष  पर पार्टी का निर्देश और फैसला है कि "हम राजनीति का अपराधीकरण नहीं होने देंगे। इसलिए *जैसे ही इंदौर के टिकट का संज्ञान में आया कि, किसी आदतन अपराधी के परिवार को टिकट मिला है। शिवराज ने कहा  मैंने, प्रदेश अध्यक्ष जी ने, संगठन महामंत्री जी ने बात की और तत्काल उस टिकट को निरस्त किया।आगे भी अगर ऐसी कोई बात संज्ञान में आयेगी तो, यह बात पक्की है कि, भारतीय जनता पार्टी किसी आदतन कुख्यात अपराधी को जनप्रतिनिधि के पद पर प्रतिष्ठित नहीं करेगी हम तुरंत एक्शन लेंगे। सार्वजनिक जीवन में जनता से चुने हुए प्रतिनिधि लोक सेवा,जन कल्याण और विकास के लिए होते हैं। वहां अपराधियों को कोई स्थान नहीं है, हां कोई राजनीतिक मामले हैं आदतन अपराधी नहीं है, कई बार लड़ाई झगड़ा आपस में हो जाता है। मैं कुख्यात आदतन अपराध की बात कर रहा हूं कई बार परिवारों में सामान्य मामले होते हैं वैसी कोई परिस्थिति है या कहीं कोई घटना हो गई अपराधी नहीं हैं या राजनीतिक मामले हो गए मैं उनकी बात नहीं कर रहा हूं वो मामले अलग हैं। लेकिन कुख्यात आदतन अपराधी जो लगातार गड़बड़ करते हैं, जिनके खिलाफ ऐसे बड़े केसेस हैं, जुआं, सट्टा, अनैतिक गतिविधियां में लिप्त हैं उसे भारतीय जनता पार्टी अपना उम्मीदवार नहीं बनाएगी और अगर कहीं बना होगा तो उसे भी वापस ले लेगी। गौरतलब है कि निकाय चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों का आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 June 2022

नामांकन दाखिल करने का आखिरी दिन

  सभी दल के प्रत्याशी पहुंचे एसडीएम कार्यालय  नगरीय निकाय चुनाव के लिए सभी पार्टियां पूरा दम ख़म लगा रही हैं। सभी पार्टियों के उम्मीदवार अपना नामांकन दाखिल करने सम्बंधित एसडीएम कार्यालय पहुँच रहे हैं।  उम्‍मीदवारों द्वारा नामांकन जमा करने का आज अंतिम दिन है। वहीं भाजपा और कांग्रेस में अंदरूनी विरोध भी जारी है।  शुक्रवार देर रात पार्षद पद के प्रत्‍याशियों की सूची जारी की है। नामांकन का अंतिम दिन होने की वजह से आज सुबह कलेक्‍टर व एसडीएम कार्यालयों के खुलने के साथ ही नामांकन के लिए प्रत्‍याशियों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया। विभिन्‍न जोन के एसडीएम कार्यालयों में उम्‍मीदवारों की कतार लग रही है। भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने इंतजाम बढ़ाए हैं। किसी तरह की अफरा-तफरी की स्‍थिति निर्मित न हो, इस हेतु पुलिस बल भी तैनात है। तमाम प्रत्याशी अपने समर्थकों के साथ नामांकन जमा करने पहुंचे हैं।  उधर भाजपा में भी प्रत्याशी चयन को लेकर कुछ कार्यकर्ताओं में रोष है।  छिंदवाड़ा सिंगरौली सहित कई जगहों में टिकट देने का छुटपुट विरोध भी हुआ है।  भाजपा ने इंदौर के वार्ड 56 के प्रत्याशी को बदला है, यहां पहले युवराज काशिद की पत्नी स्वाति काशिद को टिकट मिला था, जिनके स्थान पर गजानंद गांवडे को टिकट दिया गया। प्रत्याशी स्वाति के परिवार के सदस्य पर आपराधिक आरोप है। यह बात भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कही। साथ ही उन्होंने कहा कि हम बड़े बहुमत से जीतेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 June 2022

सांसद प्रज्ञा को जान से मारने की धमकी

  अज्ञात ने कहा कि तुम्हारी हत्या कर देंगे   भोपाल की सांसद  साध्‍वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को शुक्रवार रात को अंडरवर्ल्ड से जान से मारने की धमकी मिली है। वह रात एक बजे अपने निवास पर कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर नगरीय चुनाव को लेकर चर्चा कर रहीं थीं। तभी उनके मोबाइल पर अनजान नंबर से वाट्सएप काल आया।  जिसे उन्होंने उठाया तो फोन करने वाले ने उनसे पूछा कि क्या वह प्रज्ञा बोल रही हैं। इस पर उन्होंने हां जबाव दिया तो फोन करने वाले ने कहा कि तुम्हारी हत्या कर देंगे। इस पर प्रज्ञा ने कारण पूछा तो जबाव मिला कि तुम एक्शन क रिएक्शन देख लेना। धमकी देने वाले ने खुद को अंडरवर्ल्ड डान दाउद इब्राहिम के भाई इकबाल कासकर का आदमी बताया है। इस मामले की सांसद प्रज्ञा ने टीटीनगर थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। टीटी नगर थाना प्रभारी चैन सिंह रघुवंशी ने बताया कि शिकायत के आधार पर अज्ञात मोबाइल नंबर धारक के खिलाफ जान से मारने धमकी देने की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। पुलिस अज्ञात आरोपित की पहचान करने में जुट गई है। भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर को फोन पर जान से मारने की धमकी, बोला- इकबाल कासकर का आदमी हूं, छोड़ूंगा नहीं।  सांसद ने दिया जबाव, दम है तो कर देना कत्ल, मुसलमान क्या अमृत बरसाते हैं... फ़ोन पर अज्ञात कॉल  प्रज्ञा सिंह ठाकुर बोल रही हो।सांसद - हां बोल रही हूं।अज्ञात - तुम्हरी हत्या कर देंगे।सांसद - तुम कौन बोल रहे हो।अज्ञात - इकबाल कासकर का आदमी बोल रहा हूं।सांसद - यह कासकर कौन है और कहां के हैं।अज्ञात - देख लो मैडम आपको मालूम पड़ेगा। सांसद - यह कासकर कौन है मेरी हत्या क्यों करोगे। यह बताना जरा। अज्ञात - तुम एक्शन का रिएक्श देख लेना।सांसद - हत्या कर देना, लेकिन कारण क्या है। अज्ञात - मुसलमान पर जहर उगलती हो, उन्हें ही टारगेट करती हो। सांसद - तो क्या मुसलमान अमृत बरसाते हैं, हमने ऐसा क्या कहा तुमको तकलीफ हो गई। अज्ञात - इसका तुमको मालूम पड़ेगा। सांसद - तुम मेरी हत्या कर दोगे तो कहां से मालूम पड़ेगा।अज्ञात - मुझे सूचना देनी थी, जो दे दी। सांसद - दम रखते हो तो कत्ल कर देना, लेकिन क्या तकलीफ हो गई।अज्ञात - हमारा जो आदमी मारेगा वो तुमको बता देगा। सांसद - अगर तुम मुझे मार दोगे तो हमें कैसे बताओगे, पता कैसे चलेगा। नशे में बोल रहे हो क्या। जवाब - नशे में हम क्यों बोलेंगे। तुम्हारी हत्या होने वाली है। तुम्‍हें सूचना देनी थी, दे दी। सांसद - मारने वाले हो तो सामने आकर बोलो। तुम्हारे अंदर जिगरा है तो सामने आकर बोलो भैया। जवाब - सामने आकर मारेंगे, तब देख लेना जिगरा है कि नहीं। आपको बता दें इकबाल कासकर डान दाउद का भाई है। वह 2017 में दर्ज किए गए तीन मामलो की वजह से जेल में बंद है। यह मामले जबरन उगाही से जुड़े हैं इसमें कासकर पर मकोका लगा है। वह अपने भाई के साथ मिलकर डी कंपनी की गतिविधियों का संचालन करता है। उसका नेटवर्क मुंबई में फैला हुआ है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 June 2022

इंदौर बीजेपी महापौर प्रत्याशी ने भरा नामांकन

  सीएम शिवराज ने कहा पुष्यमित्र मतलब जनता का मित्र शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर के महापौर पद के भाजपा प्रत्याशी पुष्यमित्र भार्गव के नामांकन भरने से पहले राजवाडा पर आयोजित सभा का आयोजन हुआ। शिवराज ने कहा पुष्यमित्र मतलब जनता का मित्र। भारतीय जनता पार्टी सबसे अलग पार्टी है, मोदी जी, अमित जी, नड्डा जी हमारे नेता हैं। पार्टी ने तय किया कि एक व्यक्ति के पास एक पद ही रहेगा। कांग्रेस में तो एक ही आदमी विधायक, सांसद और महापौर के उम्मीदवार है। कमलनाथ या तो तुम्हारे पास कार्यकर्ता ही नहीं है, या कार्यकर्ता हैं तो उनकी कोई इज्जत नहीं है। इंदौर में लड़ाई धन के पुजारी और ज्ञान के पुजारी के बीच में है।   इस दौरान प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सहित शहर के बड़े नेता मंच पर उपस्थित थे। शिवराज ने  कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि इंदौर के विकास की परंपरा जो कैलाश विजयवर्गीय, मालिनी गौड़, उमाशशि शर्मा ने कायम की है, उसे पुष्यमित्र आगे बढ़ाएंगे। इसे और स्वच्छ और सुंदर बनाएंगे। इन्हीं के प्रयासों से इंदौर स्वच्छता में नवाचार ला रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इंदौर की एक परंपरा है, जीवन मूल्य है, आदर्श है, संस्कार है। यह मां अहिल्या का शहर है इंदौर और यह मेरे सपनों का भी शहर है। आने वाले दस सालों में इंदौर बेंगलुरू और हैदराबाद को पीछे छोड़ देगा। पुष्यमित्र एक सर्वश्रेष्ठ अधिवक्ता हैं। हाई कोर्ट में सरकार के एडिशनल जनरल एडवोकेट के तौर पर पूरी प्रमाणिकता के साथ पुष्यमित्र भार्गव ने जनता का पक्ष रखने में कोई कमी नहीं छोड़ी है। स्वच्छ छवि है और ऐसा कार्यकर्ता जिसे जब कहा गया कि नार्थ ईस्ट जाकर आओ तो वह वहां भी जाकर आया है। उन्होंने कहा कि इंदौर बनाने के हमारे अपने सपने हैं। इंदौर का विकास, ग्रीन सिटी इंदौर, क्लीन सिटी इंदौर, आईटी सिटी इंदौर, मेट्रो सिटी इंदौर, स्मार्ट सिटी इंदौर इन्वेस्टर्स सिटी इंदौर के लिए हमारा रोडमैप तैयार है। इस मौके पर  बीजेपी महापौर पद के प्रत्याशी पुष्यमित्र भार्गव ने सहपरिवार खजराना गणेश की पूजा अर्चना की एवं आशीर्वाद लिया।उन्होंने प्राचीन हरसिद्धि मंदिर पहुंचकर मां का आशीर्वाद लिया। बीजेपी इंदौर जीत के लिए पूरे दम ख़म के साथ काम क्र रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 June 2022

निकाय चुनाव में हाई कोर्ट का नोटिस

  नगर पालिका वार्ड आरक्षण मामले में जवाब-तलब  इटारसी नगर पालिका वार्ड आरक्षण मामले में जबलपुर हाई कोर्ट ने संज्ञान लिया है। हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रवि मलिमठ और  जस्टिस विशाल मिश्रा की युगलपीठ ने नगर पालिका वार्ड आरक्षण मामले में जवाब-तलब कर लिया है। मामले में राज्य शासन के साथ  चुनाव आयुक्त को नोटिस जारी किए गए हैं। याचिकाकर्ता इटारसी निवासी शंकर लाल यादव की ओर से अधिवक्ता आशीष त्रिवेदी, असीम त्रिवेदी, अपूर्व त्रिवेदी, आनंद शुक्ला व आशीष तिवारी ने पक्ष रखा। उन्हाेंने दलील दी कि पूर्व में एसटीएससी के लिए किए गए आरक्षण को यथावत रखा गया, जो कि एसडीओ द्वारा किया गया था। जबकि विहित प्राधिकारी नियमानुसार कलेक्टर थे, एससी एसटी का आरक्षण नियम विरुद्ध है। इसमें  किए गए आरक्षण में ओबीसी को 25 प्रतिशत से अधिक आरक्षण प्रदान किया गया है। जो कि निर्वाचन नियमों के विरुद्ध है। याचिका में यह भी तर्क दिया गया कि नवीन आरक्षण में ओबीसी सीटों का आरक्षण बिना लाट डाले किया गया जो कि नियम विरुद्ध है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 June 2022

अग्निपथ योजना की आग इंदौर पहुंची

  पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को किया गिरफ्तार  केंद्र सरकार की अग्निपथ भर्ती योजना को लेकर सेना में भर्ती के लिए देश भर में जारी प्रदर्शन की आग अब इंदौर तक भी पहुंच गई है।लक्ष्मीबाई नगर रेलवे स्टेशन पर करीब 300 प्रदर्शनकारी छात्रों ने विरोध कर उत्पात मचाया।इस दौरान एक ट्रेन भी रोकी गई। प्रदर्शनकारियों को नियंत्रित करने के लिए अनेक थानों की  फ़ोर्स भेजी गई। लेकिन  उपद्रव कर रहे छात्रों ने पुलिस के साथ ही ट्रेन पर पथराव किया। कई गाड़ियां फोड़ दी गई । पुलिस ने बल का प्रयोग करते हुए  प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया। प्रशासन के द्वारा कुछ ट्रेनों को फिलहाल के लिए रद्द किया गया।  पुलिस अब  उपद्रवियों की तलाश शुरू कर दी है । 28 लोगों को  पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है की प्रदर्शनकारी  छात्रों ने मुंह पर रुमाल और कपड़ा  था।  बांधे हुए थे।  पत्थरबाजी में ट्रेन के कांच फोड़ दिए गए।  कुछ यात्रियों को  चोट भी लगी । पुलिस को इन प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए आंसू गैस का भी उपयोग करना पड़ा। पुलिसकर्मियों ने बल प्रयोग कर इन प्रदर्शनकारियों को ट्रैक पर से खदेड़ दिया। इस पूरे प्रदर्शन के दौरान पुलिस कर्मियों को भी चोटें आई है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 June 2022

सज्जन सिंह वर्मा का करणी सेना ने किया विरोध

  सज्जन सिंह का किया गया पुतला दहन  पूर्व मंत्री कांग्रेस नेता की अभद्र टिप्पणी और अशोभनीय भाषा का अब विरोध शुरू हो गया है।  सज्जन सिंह वर्मा का हाल ही में एक ऑडियो सामने आया था. जिसमें उन्होंने राजपूत समाज के एक कार्यकर्ता से मोबाइल पर अभद्र भाषा में बात की थी। जिसको लेकर करणी सेना के लोगों ने सयाजी द्वार के सामने जमकर विरोध प्रदर्शन किया।  करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने हाथों में तख्ती  लेकर विरोध जताया। करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने सज्जन सिंह के चित्र को चप्पलों से पीटा। कार्यकर्ताओं ने  नारेबाजी करते हुए फोटो में आग लगा दी। आपको बता दें महापौर प्रत्याशी के रूप में ब्राह्मण समाज से विनोदिनी व्यास का नाम घोषित किया गया था। वहीं  कार्यकर्ताओं का असंतोष उभर कर सामने आ रहा था। इसी को लेकर एक कार्यकर्ता ने मोबाइल पर सज्जन वर्मा से बात की थी, इसी दौरान सज्जन वर्मा ने कार्यकर्ता को अभद्र भाषा में कहा था कि यह टिकट दिग्विजय सिंह ने दिलाया है जो कि खुद राजपूत हैं। सज्जन वर्मा कांग्रेस प्रत्याशी की जमानत जप्त हो जाने की बात पर भड़क गए थे। इस दौरान उन्होंने कई आपत्तिजनक शब्दों और गाली का इस्तेमाल किया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 June 2022

पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के वायरल ऑडियो पर भाजपा प्रवक्ता की प्रतिक्रिया

  दिग्विजय सिंह पर कसा तंज, कहा- हम तो कहीं के भी नहीं रहे सनम   भोपाल। कांग्रेस एक ऐसी विचारधारा वाली पार्टी है, जिसकी जड़ाें में भ्रष्टाचार कूट कूट कर भरा है। यह पार्टी न कभी माताओं का सम्मान करती आई है और न ही कभी बहनों को इज्जत कांग्रेस पार्टी से मिली है। जितनी अभद्रता, गंदी बातचीत और अश्लीलता सज्जन सिंह वर्मा ने अपने शब्दों के जरिए उस कार्यकर्ता से की है। यह उनके असली चरित्र को उजागर करता है। यह कहना है भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दुर्गेश केसवानी का। डॉ. केसवानी ने पूरे मामले पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि सज्जन सिंह वर्मा को तो दुर्जन सिंह वर्मा कहा जाना चाहिए। इसके पहले सज्जन सिंह जिन्ना का भी महिमा मंडन कर चुके हैं।     दरअसल केसवानी उस वायरल ऑडियो पर प्रतिक्रया दे रहे थे। जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा अपने एक राजपूत कार्यकर्ता से बातचीत करते हुए गंदे शब्दों और माताओं बहनों की इज्जत तारतार करने वाली गालियों का जोरदार प्रयोग कर रहे थे। इस दौरान सज्जन सिंह वर्मा को कार्यकर्ता से कहते सुना जा सकता है कि टिकट तेरे बाप दिग्विजय सिंह ने दिलाई है। इसके बाद वे ताबड़तोड़ गालियां बकना शुरू कर देते हैं। ऑडियो में वर्मा की जुबान लड़खड़ा भी रही है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि बातचीत के दौरान उन्होंने जमकर शराब भी पी रखी होगी।     कहीं के भी नहीं रहे दिग्विजय :  डॉ. केसवानी ने कहा कि इससे पहले भी सज्जन सिंह वर्मा दिग्विजय सिंह को अपशब्द कह चुके हैं। वहीं उमंग सिंघार भी उन्हें ब्लैक मेलर कह चुके हैं। ऐसे में एक बार फिर उनको बाप कहकर संबोधित किया जाना बता रहा है कि वे कहीं के भी नहीं रहे हैं। दिग्विजय के लिए यह कहावत बिल्कुल फिट बैठती है कि मुझे तो अपनो ने लूटा गैरों में कहां दम था, मेरी किस्ती भी वहां डूबी जहां पानी कम था।    इतनी गंदी बातचीत कभी भी नहीं सुनी :  पूरे मामले पर नाराजगी जताते हुए भाजपा प्रवक्ता डॉ. केसवानी ने कहा कि मैंने आज तक किसी भी जनप्रतिनिधि से इतने गंदे शब्द न सुने और न ही कभी किसी को अपने सामने कहते देखा। यदि पूर्व मंत्री खुलेआम इतनी गंदी बयानबाजी कर रहे हैं, तो अकेले में वे क्या क्या गुल खिलाते होंगे। वो उनकी बातचीत से ही जगजाहिर हो रहा है। वहीं अपनी बातचीत से समझ आ रहा है कि सज्जन सिंह वर्मा ने इस दौरान जमकर शराब पी रखी होगी। असल में कांग्रेस की असलियत यही है, शराब, कबाब और शबाब। इससे ज्यादा न कांग्रेस कभी सोच पाई है और न ही कभी सोच पाएगी।    यह है मामला :  कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा अपनी विधानसभा सोनकच्छ के एक कार्यकर्ता से बातचीत करने के दौरान अपना आपा खो बैठे और कार्यकर्ता की घर की महिलाओं माताओं और बहनों को टारगेट करते हुए गंदी गंदी गालियां बकने लगे। इस दौरान कार्यकर्ता से भी अश्लील बातचीत करने हुए देखे जा सकते हैं। बताया जा रहा है कि कांग्रेस का यह राजपूत कार्यकर्ता देवास महापौर पद के लिए ब्राह्मण प्रत्याशी को दावेदार बनाए जाने पर बातचीत कर रहा था और बोल रहा था कि क्या ब्राह्मण वोट बैंक से ही कांग्रेस यह सीट जीत लेगी। इस दौरान सज्जन सिंह वर्मा बार बार एक बड़े अखबार का नाम लेते हुए उससे जानकारी लेने की बात कहते दिखे और थोड़ी देर बाद खुद को थका हुआ बोलकर अपना आपा खो बैठे और अनर्गल बयानबाजी करने लगे। इस दौरान उन्होंने कार्यकता से कहा कि वे अखबार पढें क्योंकि टिकट तेरे बाप दिग्विजय सिंह ने दिलवाई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 June 2022

सात साल के बच्चे को कुत्तों ने नोच खाया

  पुलिस कर रही है जांच , नगर निगम नहीं चेता    भोपाल के निशातपुरा इलाके में बेहद दर्दनाक हादसा हुआ।  स्ट्रीट डॉग ने एक सात साल के बच्‍चे रितिक धामोर को नोच डाला। पुलिस ने बताया कि  संजीव नगर आर्मी एरिया थाना निशातपुरा के ध्रुवांचल कालोनी में प्रीति धामोर अपने दो बच्‍चों के साथ रहती थी। वह घरों में काम करती है, उसका पति खंडवा जिला के पंधाना में रहता है। बुधवार रात को रितिक घर के बाहर रोज की तरह साइकिल चला रहा था, मां प्रीति की नींद लग गई। सुबह चार बजे नींद खुली तो देखा रितिक नहीं है, वह परेशान हो गई। पास मे उनका भाई रहता है, वह उसके साथ रितिक को खोजने निकल गई। पास की झाडि़यों में रितिक का शव मिला, जिसे कुत्‍ते नोंच रहे थे। फारेस्ट विभाग की क्रैक टीम घटना स्थल पर मुआयना किया।आसपास के इलाके की सर्चिंग में जुटे वन विभाग सहित जिला प्रशासन और पुलिस अधिकारी। प्रथम दृष्टया जंगली जानवर के हमले की बात आ रही सामने आ रही है। बच्चे की मौत बच्चे के शरीर पर घातक निशान, हड्डियों को चबाने तक के निशान पाए गए हैं जो किसी तेंदुए या लकड़बग्घा के हो सकते हैं । जांच पड़ताल के लिए आसपास के कैमरे उस पर भी निगाह रखी जा रही है । पुलिस इस मामले में जांच कर रही है।  आपको बताते चलें कि यह पहली बार  नहीं है जब इस तरह कि कोई घटना हुई है। लेकिन नगर निगम प्रशासन इस पर कोई कार्रवाई नहीं कर  रहा है।  नगर निगम से पहले सोशल लवर आ धमकते हैं।  और नगर निगम की कार्रवाई तक का विरडोह जता देते हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 June 2022

ग्वालियर में अग्निपथ योजना का विरोध

  उपद्रवियों ने हंगामा कर ट्रेनों को नुकसान पहुंचाया  अग्निपथ याेजना को लेकर ग्वालियर में हिसंक प्रदर्शन हुए।  गाेला का मंदिर चाैराहे से शुरू हुआ आंदाेलन अब मेला राेड, बिरला नगर रेलवे स्टेशन तक पहुंच चुका है। प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक काे बधित कर दिया है। निजामुद्दीन-त्रिवेंद्रम ट्रेन काे भी उपद्रवियाें ने निशाना बनाया और यात्रियाें काे भी नहीं छाेड़ा। हालात इतने काबू से बाहर हाे गए कि यात्रियाें काे अपनी जान बचाकर भागना पड़ा। पुलिस काे भीड़ काे कंट्राेल करने के लिए अश्रु गैस का प्रयाेग करना पड़ा। कलेक्टर और एसपी खुद मैदान में उतरकर भीड़ काे संभालने में जुटे हुए हैं, लेकिन उपद्रव थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस उपद्रव काे देखकर लाेगाें काे कुछ साल पहले सेना भर्ती में हुआ उपद्रव फिर से याद आ गया है। उपद्रवियाें ने रेलवे स्टेशन पर पहुंचकर इतना हंगामा किया कि ट्रेनाें का संचालन ही ठप हाे गया है। ओएचई लाइन बंद कर दी गई है। ट्रेनाें के पहिए थम गए हैं। काेयंबटूर निवासी वेंकटेशन इस मारपीट में घायल भी हाे गए हैं। इसके अलावा एक अन्य यात्री राजकुमार काे भी काफी चाेटें आई हैं।अग्निपथ याेजना के तहत भर्ती और पूर्व में हुई भर्तियाें काे रद्द करने की जानकारी लगने के बाद युवाओं का गुस्सा भड़क गया है। गाैरतलब है कि ग्वालियर चंबल से सबसे ज्यादा युवा सेना में जाते हैं। उपद्रवियाें ने पड़ाव गांधी नगर में घर के बाहर खड़ी करीब 20 गाड़ियाें के कांच ताेड़ दिए हैं। वहीं खबर है कि हजीरा पर एक बस में भी आग लगाई गई है। पुलिस स्थिति को कंट्रोल करने में लगी हुई है।  हालात पर प्रशासन और पुलिस नजर बनाए हुए हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 June 2022

मामूली विवाद में बहनों ने खाया जहर

  बड़ी बहन की मौत , छोटी की हालत नाजुक  भोपाल  के निशातपुरा थाना इलाके में रहने वाली दो सगी बहनों ने मामूली विवाद  जहर खा लिया। जिससे बड़ी बहन की मौत हो गई , वहीं  छोटी बहन की हालत नाजुक बनी हुई है। बताया जा रहा है कि दोनों बहनों को झगड़ता देखकर मां ने उन्हें डांटा भी । निशातपुरा थाने के एएसआइ छत्रपाल सिंह के मुताबिक हंसमुख वर्मा जनता नगर कालोनी में परिवार के साथ रहते हैं। परिवार में उनकी पत्नी के अलावा 12 वर्ष का बेटा, 16 वर्ष की बेटी शिवानी के अलावा 17 वर्ष की बेटी शीतल थी। शीतल 12वीं में पढ़ती थी, जबकि शिवानी 11वीं की छात्रा है। मंगलवार दोपहर करीब तीन बजे दोनों बहनें अपने घर में थीं। उनकी मां घर के बाहर बैठकर गेहूं बीन रही थी। इस बीच घरेलू काम करने को लेकर दोनों बहनों के बीच आपस में लड़ाई शुरू हो गई। उन्‍हें झगड़ता देख मां भीतर आई और दोनों को जमकर डांट लगा दी। गुस्से में आकर शीतल ने घर में रखी जहरीली गोली खा ली। हालत बिगड़ने पर मां पड़ोसियों की मदद से उसे लेकर पास के एक निजी अस्पताल पहुंची। वहां इलाज के दौरान कुछ देर बाद शीतल ने दम तोड़ दिया। उधर शीतल के अस्पताल जाने के कुछ देर बाद शिवानी ने भी जहरीली गोली खा ली। उसे भी गंभीर हालत में एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया है। वहां उसकी हालत बेहद नाजुक बनी हुई है। बताया जाता है कि घटना के समय पिता और चाचा सीहोर में किसी रिश्‍तेदार के यहां गमी के कार्यक्रम में शामिल होने गए थे। फिलहाल पुलिस मामले की जाँच कर रही है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 June 2022

इंदौर से पुष्यमित्र भार्गव , रतलाम से प्रहलाद पटेल

  बीजेपी ने ग्वालियर छोड़ महापौर प्रत्याशी लिस्ट जारी की   लम्बे मंथन के बाद बीजेपी ने महापौर प्रत्याशी की घोषणा की।  भाजपा ने इंदौर महापौर पद के लिए पुष्यमित्र भार्गव और रतलाम महापौर पद के लिए प्रहलाद पटेल को उम्मीदवार बनाया है। हालांकि अभी ग्वालियर महापौर पद के लिए भाजपा उम्मीदवार का नाम घोषित नहीं किया गया। उम्मीदवार घोषित होने के बाद नगर निगम चुनाव को लेकर तस्वीर अब साफ हो गई है। एक-दो दिन में अधिकांश निकायों के लिए पार्षद पद के उम्मीदवार भी घोषित कर दिए जाएंगे। प्रत्याशियों की कुछ लिस्ट इस तरह है।  नगर निगम-उम्मीदवार भाजपा- कांग्रेस, भोपाल- मालती राय- विभा पटेल इंदौर- पुष्यमित्र भार्गव- संजय शुक्ला ग्वालियर- घोषित नहीं- शोभा सिकरवार , मुरैना-मीना जाटव- शारदा सोलंकी ,जबलपुर- डा.जितेन्द्र नामदार-जगत बहादुर सिंह 'अन्नू' ,सागर-संगीता तिवारी- निधि जैन ,छिंदवाड़ा- अनंत धुर्वे-विक्रम अहाके ,खंडवा-अमृता यादव-आभा मिश्रा ,बुरहानपुर-माधुरी पटेल-शहनाज अंसारी ,रीवा-प्रबोध व्यास-अजय मिश्रा सिंगरौली-चंद्रप्रताप विश्वकर्मा-अरविंद सिंह चंदेल ,कटनी-ज्योति दीक्षित-श्रेहा खंडेलवाल ,देवास-गीता अग्रवाल- विनोदिनी व्यास ,सतना- योगेश ताम्रकार-सिद्धार्थ कुशवाह ,उज्जैन-मुकेश टटवाल-महेश परमार , रतलाम- प्रहलाद पटेल-कांग्रेस में अभी नाम की घोषणा नहीं हुई है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 June 2022

रतलाम से बीजेपी महापौर प्रत्याशी प्रहलाद पटेल

  विधायक काश्पय की पहली पसंद प्रहलाद   भाजपा में लंबी मशक्कत के बाद  रतलाम नगर निगम में महापौर प्रत्याशी के रूप में पूर्व पार्षद प्रहलाद पटेल के नाम की घोषणा कर दी गई । बताया जा रहा है कि  शहर विधायक चेतन्य काश्यप के चलते  प्रहलाद को यह टिकट मिली है। भाजपा से पैनल में अशोक पोरवाल, प्रवीण सोनी, प्रहलाद पटेल का नाम भेजा गया था। इस बार कांग्रेस ने जल्दी नामों की घोषणा कर दी थी, जिसके चलते मौखिक तौर पर लिए गए नामों पर ही प्रदेश कोर कमेटी की 11 जून को हुई बैठक में अशोक पोरवाल का नाम तय हो गया। इसकी खबर लीक होते ही रतलाम की राजनीति में गर्माहट आ गई। पैनल में भले ही तीनों नाम भेजे गए हों, लेकिन विधायक काश्पय की पहली पसंद प्रहलाद ही थे। जब स्थानीय स्तर पर कोर कमेटी व संभागीय समिति की बैठक नहीं होने से पहले ही टिकट तय होने पर सवाल खड़े किए गए तो घोषणा रूक गई। फिलहाल महापौर प्रत्याशी प्रहलाद पटेल होंगे। और उनके साथ बीजेपी अपना दांव आजमा रही है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 June 2022

कोरोना से भोपाल में एक मौत

  साढ़े तीन माह बाद पहली मौत हुई   भोपाल में कोरोना संक्रमण से साढ़े तीन माह बाद पहली मौत हुई है। मृतक अरेरा कालोनी का रहने वाला है। वो दूसरी बीमारियों से भी पीड़ित थे । मरीज को पांच जून को एम्स भोपाल में भर्ती कराया गया था। 9  जून को उसकी मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग ने प्राथमिक पोस्ट मार्टम रिपोर्ट आने के बाद सोमवार शाम को उनकी मौत कोरोना सक्रमण से होना बताया है। भोपाल शहर से लिए गए सैपलों में से केवल 41 सैंपल की जांच रिपोर्ट ही आई, जिसमें तीन नए संक्रमित मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा देर रात जारी किए गए हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक शहर में अब 98 सक्रिय संक्रमित हैं। इनमें से 94 होम आइसोलेशन में है और 4 मरीजों का इलाज शहर के अलग-अलग अस्पतालों में चल रहा है। 12 जून को 296 सैंपल की जांच रिपोर्ट आई थी, जिसमें 11 संक्रमित मिले थे जबकि 11 जून को 296 सैंपल की जांच में 11 संक्रमित मिले थे।इसी तरह 10 जून को 200 सैंपल की जांच में 21 संक्रमित की पहचान हुई थी। कुल मिलाकर जून के पहले सप्ताह से शहर में संक्रमितो की संख्या बढ़ रही है। हालांकि इस बीच कुछ दिनों में मरीजों की संख्या घटी भी है। निकाय चुनाव ड्यूटी करने वाले अधिकारी, कर्मचारियों कोरोना से बचाव करने वाले टीके की दोनों डोज के साथ-साथ सतर्कता डोज भी लगवानी होगी। कर्मचारियों को टीकाकरण जरूरी होगा।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 June 2022

राष्ट्रपति चुनाव से पहले MLA शामिल हुए बीजेपी में

  राणा विक्रम सिंह,राजेश शुक्ला ,संजीव कुशवाहा बीजेपी में  राष्ट्रपति चुनाव को लेकर राजनीति में उथल पुथल मची हुई है। चुनाव के गणित पार्टियां बैठाने में लगी हुई हैं।  राष्‍ट्रपति चुनाव से पूर्व प्रदेश विधानसभा में भाजपा  की संख्या में बढ़ोतरी हुई है । दरअसल एक निर्दलीय समेत दो अन्‍य पार्टियों के विधायक कुछ देर पहले भाजपा के प्रदेश मुख्‍यालय पहुंचे और पार्टी की सदस्‍यता ग्रहण की। इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पार्टी के प्रदेश प्रभारी पी मुरलीधर राव और प्रदेशाध्‍यक्ष वीडी शर्मा भी मौजूद रहे। भाजपा में शामिल होने वालों में निर्दलीय विधायक राणा विक्रम सिंह, सपा विधायक राजेश शुक्ला और बसपा विधायक संजीव कुशवाहा हैं। सत्ता का सेमीफाइनल माने जा रहे पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव की सरगर्मियों के बीच पार्टी की अदला-बदली भी जारी  है।  बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के भिंड से विधायक संजीव सिंह कुशवाह भाजपा में शामिल हो गए हैं। संजीव सिंह कुशवाह पूर्व सांसद रामलखन सिंह के पुत्र हैं। कांग्रेस की अल्पमत वाली कमल नाथ सरकार को बसपा ने समर्थन दिया था। सत्ता परिवर्तन के बाद उनके भाजपा नेताओं से बेहतर संपर्क रहे हैं। आपको बता दें निकाय चुनाव से पहले ही कई नेता इधर से उधर जा रहे हैं। भाजपा नेता मलैया ने जहाँ बीजेपी छिड़ दी है वही कई विधायकों ने बीजेपी ज्वाइन कर ली है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 June 2022

भाजपा में महापौर के 13 प्रत्याशियों की घोषणा

  भोपाल से मालती राय महापौर पद का प्रत्‍याशी    लम्बे समय से महापौर प्रत्याशी को लेकर चल रही अटकलों में विराम लग गया  है। भारतीय जनता पार्टी ने लंबी माथापच्‍ची और कई दौर की बैठकों के बाद आखिरकार नगरीय निकाय चुनाव में 16 में से 13 नगर निगम के लिए महापौर पद के प्रत्‍याशियों का ऐलान कर दिया है  । इंदौर, रतलाम और ग्‍वालियर में महापौर पद के प्रत्‍याशियों की घोषणा अभी नहीं हुई है। राजधानी भोपाल में पार्टी ने मालती राय को महापौर पद का प्रत्‍याशी बनाया है। जबलपुर में डॉ जितेंद्र जामदार के नाम पर पार्टी ने मुहर लगाई है। इसे अलावा कटनी से ज्‍योति दीक्षित, छिंदवाड़ा से अनंत धुर्वे, खंडवा से अमृता यादव को पार्टी ने टिकट दिया है। इसके अलावा मुरैना से मीना जाटव, सागर से संगीता तिवारी, रीवा से प्रबोध व्‍यास, सतना से योगेश ताम्रकार, सिंगरौली से चंद्रप्रताप विश्‍वकर्मा, बुरहानपुर  से माधुरी पटेल, उज्‍जैन से मुकेश टटवाल और देवास से गीता अग्रवाल भाजपा की ओर से महापौर पद की प्रत्‍याशी होंगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 June 2022

महापौर प्रत्याशी दिल्ली से घोषित हो सकते हैं

  सीएम शिवराज दिल्ली में मिलेंगे गृह मंत्री से  मध्यप्रदेश में भाजपा अब तक टिकट को लेकर निर्णय नहीं ले पाई है।  निकाय चुनाव में भाजपा महापौर प्रत्याशियों के नाम का ऐलान अब दिल्ली से होगा। भाजपा में मंथन के बाद भी दो दिन के बाद निर्णय नहीं हो पाया। बताया जा रहा है कि  सीएम शिवराज सिंह चौहान सोमवार दोपहर लिस्ट लेकर दिल्ली रवाना हो गए। दिल्ली रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री बीजेपी प्रदेश कार्यालय पहुंचे। यहां पर करीब आधे घंटे तक नामों को लेकर चर्चा हुई। इस मौके पर सीएम ने प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव, संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा के साथ बंद कमरे में प्रत्याशी चयन को लेकर चर्चा की। मुख्यमंत्री  शिवराज दिल्ली में केंद्रीय गृहमंत्री , केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत से चर्चा करेंगे। आपको बता दें कि  महापौर के प्रत्याशी को लेकर बीजेपी कार्यालय में कृष्णा गौर का नाम सबसे आगे हैं। लेकिन फैसला अभी होना बाकी है।  इसमें बदलाव भी किये जा सकते हैं।  केंद्रीय नेतृत्व इसमें फैसला ले सकता है।  उसके बाद ही देर रात उम्मीदारों के नाम घोषित हो सकते हैं।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 June 2022

ट्रांसफार्मर फैक्ट्री में भीषण आग

  शॉर्ट सर्किट से लगी आग  जबलपुर रिछाई स्थित ट्रांसफार्मर फैक्ट्री में भीषण आग लग गई। आग  शार्ट सर्किट से लगी । बताया जा रहा है कि फैक्ट्री के सामने ही विद्युत ट्रांसफार्मर लगा हुआ है। ट्रांसफॉर्मर को चालू करने के कुछ देर बाद ही ये घटना हुई।  सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे रांझी टीआई  ने बताया कि  रविवार को ही ट्रांसफार्मर में सुधार कार्य किया गया था। जिसके  कुछ देर बाद फैक्ट्री में आग लग गई।  संभावना जताई जा रही है कि शार्ट सर्किट से फैक्ट्री में आ लगी होगी। वहीं, महाकोशल उद्योग संघ के अध्यक्ष डीआर जैसवानी ने बताया कि फैक्ट्री में ट्रांसफार्मर की रिपेयरिंग व नए ट्रांसफार्मर बनाने का काम किया जाता है। करीब 100-125 ट्रांसफार्मर फैक्ट्री में रखे हुए थे। इसके अलावा कल ही फैक्ट्री मालिक ने करीब 12 हजार लीटर आयल मंगवाया था। ट्रांसफार्मर में आयल का उपयोग किया जाता है। फैक्ट्री में ज्वलनशील सामग्री रखी होने से आग तेजी से फैली और कुछ घंटे में ही सबकुछ जलकर राख हो गया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जिस फैक्ट्री में आग लगी उसके परिसर में ही एक श्रमिक परिवार भी रहता था। जैसे ही आग फैली वहां मौजूद जनों ने उन्हें सुरक्षित बाहर निकाल लिया। नहीं तो जनहानि भी हो सकती थी। दमकलकर्मियों ने बामुश्किल आग पर काबू पाया।  कई घंटों के बाद आग पर काबू पाया जा सका। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 June 2022

प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमित

  सोमवार को 62 कोरोना संक्रमित मिले    मध्य प्रदेश में सोमवार को 62 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इनके सैंपल रविवार को लिए थे। इन संक्रमितों में से 31 मरीज को टीके के दोनों डोज चुके थे। जो संक्रमित मिले हैं, उनमें से 95 प्रतिशत ने सतर्कता डोज नहीं लगवाए थे। वहीं  रविवार को आई जांच रिपोर्ट में 59 संक्रमित मिले थे, इनके सैंपल शनिवार लिए थे। शनिवार जो रिपोर्ट आई थी उसमें 79 संक्रमितों की पहचान हुई थी, ये सैंपल शुक्रवार को लिए थे। इसके पहले भी कोरोना मरीजों की संख्या घटती-बढ़ती रही है लेकिन बीते एक सप्ताह का ट्रेंड बताता है कि संक्रमितों की संख्या अपेक्षाकृत बढ़ रही है। मरीज लगातार अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं।  हालांकि लोग ठीक भी हो रहे हैं।  लेकिन  ठीक होने वाले संक्रमितों की संख्या घट रही है। रविवार को एक दिन में 27 मरीज ही ठीक हुए हैं। इसके पहले एक दिन में 35 मरीज ठीक हुए थे।  भोपाल में 97 संक्रमित हैं, इनमें से चार को अस्पतालों में भर्ती करना पड़ा है।  बाकी के होम आइसोलेशरन में है। डाक्टरों का कहना है कि कोरोना संक्रमण से घबराने की जरुरत नहीं है, लेकिन बचाव जरुरी है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 June 2022

praveen kakkar

  बच्चों के हाथ में श्रम नहीं शिक्षा दीजिए   प्रवीण कक्कड़   बालश्रम यानी कानून द्वारा निर्धारित आयु से कम उम्र में बच्चों को मजदूरी या अन्य श्रमों में झोंक देना। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसे शोषण करने वाली प्रथा और कानूनन अपराध माना गया है। इसी अवधारणा को सोचकर विश्व बाल श्रम निषेध दिवस की शुरुआत साल 2002 में ‘इंटरनेशनल लेबर आर्गेनाईजेशन’ द्वारा की गई थी। इस दिवस को मनाने का मक़सद बच्चों के अधिकारों की सुरक्षा की ज़रूरत को उजागर करना और बाल श्रम व अलग - अलग रूपों में बच्चों के मौलिक अधिकारों के उल्लंघनों को ख़त्म करना है। हर साल 12 जून को मनाए जाने वाले विश्व बाल श्रम निषेध दिवस के मौके पर संयुक्त राष्ट्र एक विषय तय करता है। इस वर्ष वर्ल्ड डे अगेंस्ट चाइल्ड लेबर 2022 की 'बाल श्रम को समाप्त करने के लिए सार्वभौमिक सामाजिक संरक्षण' रखी गई है। इस मौके पर अलग - अलग राष्ट्रों के प्रतिनिधि, अधिकारी और बाल मज़दूरी पर लग़ाम लगाने वाले कई अंतराष्ट्रीय संगठन हिस्सा लेते हैं, जहां दुनिया भर में मौजूद बाल मज़दूरी की समस्या पर चर्चा होती है। आज हम सभी को आगे आने की जरूरत है और जरूरत है उस सोच को साकार करने की कि इन नन्हें हाथों में श्रम नहीं शिक्षा दी जाए, क्योंकि शिक्षा ही वह अधिकार है, जो अपने हक की लड़ाई का सबसे मजबूत हथियार है।   बाल-श्रम का मतलब यह है कि जिसमें कार्य करने वाला व्यक्ति कानून द्वारा निर्धारित आयु सीमा से छोटा होता है। इस प्रथा को कई देशों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों ने शोषण करने वाली प्रथा माना है। अतीत में बाल श्रम का कई प्रकार से उपयोग किया जाता था, लेकिन सार्वभौमिक स्कूली शिक्षा के साथ औद्योगीकरण, काम करने की स्थिति में परिवर्तन तथा कामगारों के श्रम अधिकार और बच्चों अधिकार की अवधारणाओं के चलते इसमें परिवर्तन हुआ है। देश एवं राष्ट्र के स्वर्णिम भविष्य के निर्माता उस देश के बच्चे होते हैं। अत: राष्ट्र, देश एवं समाज का भी दायित्व होता है कि अपनी धरोहर की अमूल्य निधि को सहेज कर रखा जाये ।   इसके लिये आवश्यक है कि बच्चों की शिक्षा, लालन-पालन, शारीरिक, मानसिक विकास, समुचित सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जाये और यह उत्तरदायित्व राष्ट्र का होता है, समाज का होता है, परन्तु यह एक बहुत बड़ी त्रासदी है कि भारत देश में ही अपितु समूचे विश्व में बालश्रम की समस्या विकट रूप में उभर कर आ रही है । देश में श्रमिक के रूप में कार्य कर रहे 5 वर्ष से 14 वर्ष तक के बालक बाल श्रमिक के अंतर्गत आते हैं ।    1981 में हुई भारत की जनगणना ने यह अनुमान लगाया था कि करीब 1 करोड 30 लाख बच्चे (14 वर्ष से कम उम्र वाले) अधिकांशत: खेतिहर गतिविधियों में लगे हुए है । 1993 में नेशनल सैम्पल सर्वे ने अनुमान लगाया कि 5 से 15 वर्ष की आयु के 1 करोड 70 लाख बाल मजदूर कार्यरत हैं। 2005 में इस संख्या को 4 करोड 40 लाख बताया। मौजूदा दौर में देश में लगभग 6 करोड़ से भी अधिक बाल श्रमिक हैं जिनमें लगभग 2 करोड़ से अधिक लड़कियाँ हैं। यह बाल श्रमिक देश के सभी भागों में छिटपुट रूप से विद्‌यमान हैं। देश के कुछ भागों, जैसे उत्तर प्रदेश, बिहार, बंगाल, मध्य प्रदेश, उड़ीसा में इन श्रमिकों की संख्या तुलनात्मक रूप से अधिक है । बालश्रम की समस्या का मूल कारण गरीबी एवं जनसंख्या वृद्धि होती है। इस दृष्टि से भारत इन दोनों समस्याओं से ग्रसित है। सभी बच्चों को अपने परिवार का पेट भरने हेतु कमरतोड़ मेहनत वाले कार्यो मे झोंक दिया जाता है, जबकि उनका को शरीर और कच्ची उम्र उन कार्यो के अनुकूल नहीं होती।    यह सब चीजें बाल श्रम को एक वैश्विक चुनौती बना देते हैं। कई संस्थाएं इस काम पर नियंत्रण रखती हैं। इंटरनेशनल लेबर आर्गेनाईजेशन की स्थापना 1919 में हुई है। ये संयुक्त राष्ट्र की एक एजेंसी के रूप में काम करती है। इसका मुख्यालय जेनेवा में है। इसका मक़सद विश्व में श्रम मानकों को स्थापित करना और श्रमिकों की अवस्था और आवास में सुधार करना है। बाल अधिकारों पर “संयुक्त राष्ट्र समझौता”(UNCRC) 1989 में बना एक क़ानूनी रूप से बाध्यकारी अंतर्राष्ट्रीय समझौता है। इस समझौते में जाति, धर्म को दरकिनार करते हुए हर बच्चे के नागरिक, राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक अधिकारों की स्थापना की गई है। इस समझौते पर कुल 194 देशों ने हस्ताक्षर किए हैं। समझौते के मुताबिक़ (UNCRC) पर दस्तख़त करने वाले सभी देशों का ये कर्तव्य है कि वे बच्चों को निःशुल्क और ज़रूरी प्राथमिक शिक्षा प्रदान करे।   भारतीय संविधान के मुताबिक़ किसी उद्योग, कल - कारखाने या किसी कंपनी में मानसिक या शारीरिक श्रम करने वाले 5 - 14 वर्ष उम्र के बच्चों को बाल श्रमिक कहा जाता है। संयुक्त राष्ट्र संघ के मुताबिक़ - 18 वर्ष से कम उम्र के श्रम करने वाले लोग बाल श्रमिक हैं। अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन के मुताबिक़ - बाल श्रम की उम्र 15 साल तय की गई है। अमेरिका में - 12 साल या उससे कम उम्र के लोगों को बाल श्रमिक माना जाता है।    समाज में आती जागरूकता एक दूसरी चीज है जो बाल श्रम को रोकने में ज्यादा महत्वपूर्ण काम कर सकती है। संविधान और कानून दंडात्मक कार्य कर सकते हैं लेकिन सामाजिक सक्रियता खुद ही लोगों को गलती के प्रति जागरूक कर सकती है। भारत में बहुत से सामाजिक संगठन और गैर सरकारी संस्थाएं इस बारे में अपना प्रयास कर रही हैं। संस्थाएं एक तरफ प्रशासन को बाल मजदूरी के मामले उजागर करने में सहयोग करते हैं तो दूसरी तरफ बाल मजदूरी से मुक्त कराए गए बच्चों के पुनर्वास और शिक्षा आदि का प्रबंध भी करते हैं।   *आज बाल श्रम निषेध दिवस के दिन हम सब को संकल्प करना चाहिए कि जहां तक संभव हो हम शांतिपूर्ण तरीके से अपने देश में इस बुराई को समाप्त करें। और एक ऐसे राष्ट्र का निर्माण करें जहां सब बच्चों को पढ़ाई लिखाई का पूरा अधिकार हो और सुशिक्षित होने के बाद वे अपने कामकाज में लगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 June 2022

पीसीसी चीफ कमलनाथ का बयान

दूसरे वार्ड के व्यक्ति नहीं होंगे प्रत्याशी    भाजपा कांग्रेस में निकाय चुनाव में प्रत्याशियों को लेकर उलट फेर जारी है।  कहीं लोगों को निराशा तो कहीं ख़ुशी का माहौल है।नगर निगम,नगर पालिका एवं नगर परिषद में पार्षद पद के लिए कांग्रेस दूसरे वार्ड के व्यक्ति को प्रत्याशी नहीं बनाएगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने यह निर्देश दिए हैं।  कमलनाथ ने कहा  प्रत्याशी चयन प्रक्रिया से जुड़े नेताओं को इसका पालन करना होगा। कमल नाथ ने कहा है कि वार्ड के मतदाता को ही टिकट दिया जाए। किसी भी बाहरी व्यक्ति को टिकट न दें। किसी भी सूरत में किसी का वार्ड परिवर्तन न करें। सूत्र बताते हैं कि आरक्षण प्रक्रिया की वजह से कुछ नेता दूसरे वार्डों से चुनाव लड़ने के लिए दावेदारी पेश कर रहे थे। जिसका संबंधित वार्ड के नेता विरोध कर रहे हैं। इस स्थिति को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। वहीं इस निर्णय के बाद दबंग प्रत्याशियों और टिकट की चाह रखने वालों को करारा झटका लगा है। उधर कांग्रेस में मतदाता वार्ड से बाहरी व्यक्ति को टिकट न दिए जाने से लोकल कैंडिडेट काफी खुश नजर आये।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 June 2022

आप ने की प्रदेश भर से 232 प्रत्यशियों की घोषणा

  आप जल्द ही जारी करेगी मेयर प्रत्याशियों की सूची   मध्य प्रदेश में पहली बार नगर निकाय चुनाव लड़ रही आम आदमी पार्टी ने अपने वार्ड प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी है । इस सूची को जारी करते हुए पार्टी ने जानकारी दी कि पार्टी  ईमानदार देशभक्त और इंसानियत से इत्तफाक रखने वाले लोगों को ही नगर निकाय चुनावों में अपना प्रत्याशी बना रही है और प्रत्याशियों का चयन सर्वे के आधार पर निष्पक्ष तरीके से किया जा रहा है। पार्टी ने जानकारी दी कि जल्द ही पार्टी वार्ड प्रत्याशियों की दूसरी सूची भी जारी करेगी एवं महापौर प्रत्याशियों की सूची को तैयार करने का कार्य अंतिम चरण में पहुंच चुका है। इसके साथ- साथ पार्टी की मेनिफेस्टो कमेटी ने मेनिफेस्टो तैयार करने का कार्य भी लगभग पूर्ण कर लिया है और पार्टी जल्द ही नगर निकाय चुनाव हेतु अपना मेनिफेस्टो भी जारी करेगी। पंकज सिंह ने बताया कि जल्द मेयर के साथ अन्य जिलों के लिए प्रत्याशियों की घोषणा की जाएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 June 2022

राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह की प्रेस कॉन्फ्रेंस

राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह की प्रेस कॉन्फ्रेंस  नेशनल हेराल्ड मामले में केंद्र पर निशाना  कांग्रेस के बहुचर्चित नेशनल हेराल्ड मामले में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और वरिष्ठ नेता राहुल गांधी को जारी किए गए प्रवर्तन निदेशालय के समन के मुद्दे पर कांग्रेस रविवार को देश भर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रही हैं। राज्यसभा सांसद और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने राजधानी भोपाल में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नेशनल हेराल्ड मामले को लेकर सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा की कल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को पूछताछ के लिए ईडी ने बुलाया है। जहां सभी राज्यसभा सांसद और पार्टी से जुड़े वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे और राहुल गांधी के साथ कांग्रेस दफ्तर 24 अकबर रोड से ईडी मुख्यालय तक मार्च करेंगे। दिग्विजय सिंह ने कहा कि नेहरू और गांधी परिवार ने कभी भी कोई लोन नहीं लिया उसके बावजूद भी उन्हें बदनाम करने का षड्यंत्र रचा जा रहा है इसकी हम निंदा करते हैं। दिग्विजय सिंह ने कहा कि पूरे देश में इस समय डराने धमकाने का माहौल चल रहा है बुलडोजर वाली संस्कृति चल रही है जिसका देश के कानून और संविधान में कहीं जिक्र नहीं है फिर भी मनमाने ढंग से लोगों के घर और मकान तोड़े जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि संविधान इन के लिए कोई मतलब नहीं रखता यह पद की शपथ लेते हैं निष्पक्षता के साथ काम करने का वादा जनता से करते हैं मगर पूरे देश में भारतीय जनता पार्टी पक्षपात कर रही है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि वर्ग विशेष के खिलाफ इन लोगों ने जो अभियान चलाया हुआ है इसका कड़ा विरोध करते हैं। मालूम हो कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी को नेशनल हेराल्ड से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 13 जून को ईडी के सामने पेश होना है।13 जून को राहुल की पेशी पर  कांग्रेस ने शक्ति प्रदर्शन की तैयारी की है। पार्टी सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस ने अपने सांसदों से कहा है कि वे 13 जून की सुबह दिल्ली में मौजूद रहें।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 June 2022

कोरोना के 79 नए संक्रमितों की पहचान

  29 मरीज इंदौर के, 21 मरीज भोपाल से   मध्य प्रदेश में कोरोना एक बार फिर बढ़ता दिख रहा है। 24  घंटों के दौरान प्रदेश में कोरोना के 79 नए संक्रमितों की पहचान हुई। आपको बता दें  लंबे समय बाद इतने मरीज मिले हैं। इनमें सबसे अधिक 29 मरीज इंदौर के हैं।  21 मरीज राजधानी भोपाल के हैं। मरीजों की यह संख्या प्रदेश में कोरोना के फैलने का संकेत दे रही है। इन मरीजों की पहचान 5319 सैंपलों की जांच रिपोर्ट में हुई है। इस तरह संक्रमण दर 1.5 फीसदी रही है। प्रदेश में संक्रमित मिले 79 मरीजों में से 47 ऐसे हैं जिन्हें कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लगी है।  ऐसे मरीजों को गंभीर लक्षण नहीं हैं। इन्हें डाक्टरों ने होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी है। फिर से लगातार बढ़ रहे आंकड़े अब डराने वाले हैं।  क्यूंकि 24 घंटे में इतने मरीज कई दिन बाद मिले।  और ये मरीज तब बढ़ रहे हैं जब निकाय चुनाव होने हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 June 2022

पीसीसी चीफ कमलनाथ का शिवराज सरकार पर हमला

  कानून व्यवस्था की स्थिति पर उठाए कई सवाल   पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति खराब होती जा रही है। अपराधियों में पुलिस का खौफ नहीं रह गया है। भोपाल के बैरसिया में 12 साल की बच्ची का अपहरण करके उसे यातनाएं दी जाती हैं। कानून व्यवस्था को लेकर बैठक तो खूब की जाती हैं पर परिणाम क्यों नहीं आ रहे हैं। उन्होंने कहा  इस पर कोई ध्यान नहीं देता है।  उन्होंने कहा कि प्रदेश में हर वर्ग परेशान है। महिलाओं और बच्चों पर अत्याचार के मामले बढ़ते जा रहे हैं। अपराधियों में शासन तंत्र का भय खत्म हो गया है।  माफिया और अपराधियों के विरुद्ध अभियान चलाने के दावे तो सरकार खूब करती है पर हकीकत कुछ और ही है।  स्वास्थ्य सुविधाओं का आलम यह है कि छतरपुर और खरगोन में मरीजों को एंबुलेंस तक नहीं मिलती है। जनता का ध्यान इन मुद्दों पर न जाए, इसलिए सरकार कोई न कोई इवेंट करती रहती है लेकिन अब चुनाव में जवाब देना होगा। इस मौके पर धर, जबलपुर की प्रभा यादव ने कमल नाथ के आवास पर अपने समर्थकों के साथ सदस्यता ली।  पांच हजार समर्थकों की सूची उन्होंने  पार्टी पदाधिकारियों को सौंपी है।  आपको बता दें प्रभा के पति भारत सिंह यादव 2018 में जबलपुर जिले के पनागर विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय चुनाव लड़ चुके हैं।  और उन्हें 42 हजार वोट मिले थे। इस मौके पर  पूर्व मंत्री तरुण भनोट, लखन घनघोरिया तरुण भनोट  मौजूद रहे ।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 June 2022

परिवार के सदस्यों ने लगाई फांसी

  पति पत्नी बेटे की मौत , बेटी गंभीर भिंड के  गोहद तहसील के कठवां गुर्जर गांव में एक परिवार के सदस्यों ने फांसी लगाकर आत्महत्या की कोशिश की।  जिसमें माता-पिता और बेटे की मौत हो गई। वहीं बेटी की हालत गंभीर है।  जिसे  ग्वालियर रेफर किया गया है। बताया जा रहा है की पारिवारिक विवाद के चलते फांसी लगाईं गई है। पुलिस का कहना है कि फिलहाल इस मामले की जांच चल रही है। जांच के बाद ही कुछ स्पष्ट कहा जा सकता है। पुलिस को गुर्जर गांव में रहने वाले 32 वर्षीय धर्मेंद्र पुत्र मान सिंह गुर्जर और उनकी 30 वर्षीय पत्नी अमरेश का शव घर के अलग-अलग कमरों में फंदे पर लटका मिला। पिता के पैरों के पास 12 वर्षीय प्रशांत पड़ा हुआ था और मां के पास 10 वर्षीय मीनाक्षी। दोनों ही बच्चों के गले में रस्सी के निशान थे। जिसे देखकर मालूम पड़ता है पहले  बच्चों का गला घोंटा गया हो और उसके बाद फांसी लगाई गई थी ।मृतक धर्मेंद्र सिंह दूध का कारोबार करते था। इस घटना की सूचना पुलिस को गाँव वालों ने दी। पुलिस के निर्देश पर ग्रामीण कमरे के दरवाजे को तोड़कर अंदर दाखिल हुए। जहां कमरे में दोनों दंपत्ति अलग-अलग कमरों में फंदे पर लटके हुए थे। गांव वालों की माने तो हमेशा की तरह जब धर्मेंद्र दूकान पर नहीं पहुंचा तो लोगों ने घर जाकर देखा जहां सभी की हालत देखकर फांसी पर लटके हुए देखकर पुलिस को सूचना दी गई। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 June 2022

सांसद प्रज्ञा ने कहा भारत हिंदुओं का है

  सच कहना बगावत है तो समझो हम बागी है   बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा पर  पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी के बाद  धमकियों को लेकर सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा है कि भारत हिंदुओं का है। उन्होंने कहा- इन अविश्वासियों ने हमेशा ऐसा ही किया है। इनका कम्युनिस्ट इतिहास है। जैसे कमलेश तिवारी ने कुछ कहा तो वह मारा गया, किसी और  ने कुछ कहा और उन्हें धमकी मिली। भारत हिंदुओं का है और सनातन धर्म यहां जिंदा रहेगा और रखना हम लोगों की जिम्मेदारी है। भोपाल की सांसद साध्‍वाी प्रज्ञा ठाकुर को निकाय चुनाव की संचालक समिति में शामिल नहीं किए जाने पर नाराज नजर आ रही है। उन्‍होंने नाराजगी जाहिर करते हुए एक ट्वीट कर दिया है। जिससे इसके कई मायने निकाले जा रहे है। उन्‍होंने कहा कि सच कहना बगावत है तो समझो हम बागी है, जय सनातन जय हिंदुत्‍व।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 June 2022

पसंदीदा को टिकट दिलवाने पर लिखित में फार्म भरना होगा

  टिकट दिलाने वाले की होगी जवाबदेही तय    पीसीसी चीफ कमलनाथ ने हाल ही में एक बयान दिया जिसमे उन्होंने कहा कि हमें किसी व्यक्ति विशेष को टिकट नहीं देना है।  हमें पार्टी का ध्यान रखना है।  पार्टी पहले है।  वहीं अब  इंदौर में कांग्रेस में अपने पसंदीदा चेहरों को टिकट दिलवाने का दबाव बना रहे वरिष्ठ नेताओं को  लिखित में फार्म भरकर देना होंगे। ऐसा उनका उत्तरदायित्व तय करने के लिए किया गया है। आगामी चुनाव के लिए उम्मीदवारों के नाम तय करने के लिए भोपाल में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ के साथ इंदौर के वरिष्ठ नेताओं की बैठक हुई।  बताया जा रहा है कि  इंदौर की कई विधानसभा क्षेत्रों से मिले लगभग 1000 बायोडाटा देखकर कमल नाथ ने कहा कि इस सूची को छोटा कीजिए।  वार्डों के लिए दो या तीन नामों का पैनल बनाया गया है। कुछ सुरिक्षत और प्रभावशाली चेहरों वाले वार्ड में एकएक नाम भी चिन्हित किए हैं। बैठक में विधानसभा एक, दो, चार और राऊ के लिए पैनल तय हुए। विधानसभा दो और तीन को होल्ड पर रखा है, क्योंकि वहां से वरिष्ठ नेता अश्विन जोशी और सत्यनारायण पटेल मौजूद नहीं थे। अब इनका निर्णय इंदौर में होगा। शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने बताया कि समर्थकों के लिए टिकट मांग रहे वरिष्ठ नेताओं को तय प्रारूप में अपने नाम के साथ आवेदन देना होगा। टिकट को लेकर हमेशा ही विवाद की स्थिति सभी पार्टियों में बनती है।  टिकट में एक को दो तो दूसरा रूठ जाता है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 June 2022

पसंदीदा को टिकट दिलवाने पर लिखित में फार्म भरना होगा

  टिकट दिलाने वाले की होगी जवाबदेही तय    पीसीसी चीफ कमलनाथ ने हाल ही में एक बयान दिया जिसमे उन्होंने कहा कि हमें किसी व्यक्ति विशेष को टिकट नहीं देना है।  हमें पार्टी का ध्यान रखना है।  पार्टी पहले है।  वहीं अब  इंदौर में कांग्रेस में अपने पसंदीदा चेहरों को टिकट दिलवाने का दबाव बना रहे वरिष्ठ नेताओं को  लिखित में फार्म भरकर देना होंगे। ऐसा उनका उत्तरदायित्व तय करने के लिए किया गया है। आगामी चुनाव के लिए उम्मीदवारों के नाम तय करने के लिए भोपाल में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ के साथ इंदौर के वरिष्ठ नेताओं की बैठक हुई।  बताया जा रहा है कि  इंदौर की कई विधानसभा क्षेत्रों से मिले लगभग 1000 बायोडाटा देखकर कमल नाथ ने कहा कि इस सूची को छोटा कीजिए।  वार्डों के लिए दो या तीन नामों का पैनल बनाया गया है। कुछ सुरिक्षत और प्रभावशाली चेहरों वाले वार्ड में एकएक नाम भी चिन्हित किए हैं। बैठक में विधानसभा एक, दो, चार और राऊ के लिए पैनल तय हुए। विधानसभा दो और तीन को होल्ड पर रखा है, क्योंकि वहां से वरिष्ठ नेता अश्विन जोशी और सत्यनारायण पटेल मौजूद नहीं थे। अब इनका निर्णय इंदौर में होगा। शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने बताया कि समर्थकों के लिए टिकट मांग रहे वरिष्ठ नेताओं को तय प्रारूप में अपने नाम के साथ आवेदन देना होगा। टिकट को लेकर हमेशा ही विवाद की स्थिति सभी पार्टियों में बनती है।  टिकट में एक को दो तो दूसरा रूठ जाता है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 June 2022

सीएम शिवराज का निकाय चुनाव का बिगुल फूंका

  सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुंचायें    निकाय चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने कमर कस ली है।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने  नगरीय निकाय चुनाव का बिगुल फूक दिया है।  उन्होंने भोपाल से पंचशील नगर से बूथ अभियान की शुरुआत की है।  उन्होंने कार्यकर्ताओं की बैठक की। जिसमें पूर्व पार्षदों से लेकर बूथ स्तर के 30 कार्यकर्ता मौजूद रहे। मुख्यमंत्री ने सभी कार्यकर्ताओं को भाजपा को बूथ स्तर पर मजबूत बनाने को कहा है।उन्होंने  कहा कि जिसे पार्टी टिकट देगी, उसे जीताने की जिम्मेदारी सभी कार्यकर्ताओं की होगी। हर कार्यकर्ता घर-घर जाए और सरकार की योजनाओं के बारे बताएं।  सरकार ने जनता के लिए हित के क्या-क्या काम किए। यह सब आम लोगों तक पहुंचाने की जरूरत है। शिवराज ने  सरकार की योजनाओं की जानकारी वाले पंपलेट लोगों को बांटे। हाथ जोड़ कर आगामी नगरीय निगम चुनाव में भाजपा पर भरोसा जताने का आग्रह किया। लोगों ने शिवराज  के ऊपर फूलों की बारिश की। इस मौके पर  मुख्यमंत्री ने पूछा कि आपको सरकार की योजनाओं का लाभ मिल रहा है?  शिवराज के बूथ स्तर तक जाने से कार्यकर्ताओं में काफी उत्साह देखने को मिला।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 June 2022

सीएम शिवराज ने अनाथ बच्चो से किया दुलार

कोरोना में पिता को खो चुकी बेटी है टॉपर  कोरोना ने कई लोगों के परिवार को छीना है। पिछले साल इसकी  वजह से अपने माता-पिता को खो चुके अशोका गार्डन निवासी नाबालिग भाई-बहन ने  सीएम आवास पहुंचकर मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुलाकात की। इस मौके पर शिवराज ने बच्‍चों के साथ दुलार किया। शिवराज ने  कहा कि वे मन लगाकर पढ़ें और उनकी चिंता अब सरकार करेगी। आपो बताते चलें की  सीबीएसई परीक्षा में हाईस्कूल की टॉपर वनिशा पाठक का मामला सामने आया था। हाल ही में वनिशा के स्‍वर्गवासी पिता को  आवासीय कर्ज  में एलआइसी ने वसूली का नोटिस भेज दिया था। इस मामले में केंद्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमन ने भी संज्ञान लेते हुए एलआइसी के अधिकारियों से प्रकरण को संवेदनशील तरीके से निपटाने का आग्रह किया था। मध्यप्रदेश बाल अधिकार आयोग ने  भी इस मामले में बच्चों को मानसिक प्रताड़ना होने पर एलआइसी अधिकारियों को नोटिस जारी कर तीन दिन में जबाव मांगा गया था। इस नोटिस के बाद एलआइसी के हाउसिंग फायनेंस विभाग ने बच्चों से उनके पिता द्वारा लिए गए कर्ज की वसूली नहीं करने का भरोसा दिलाया है।वहीं एलआइसी के उप महाप्रबंधक रमाशेष तिवारी ने  आयोग के सदस्य ब्रजेश चौहान को बताया कि वनिशा और विवान के पिता जीतेंद्र पाठक एलआइसी में एजेंट थे। उनकी मृत्यु के बाद जो भी उनकी प्रोत्‍साहन राशि व पालिसी के पैसे बचे होंगे उसी से मकान का कर्ज वसूल किया जाएगा। जबकि बचे हुए पैसों को किसी अन्य मद में माफ करने के लिए कारर्पोरेट कार्यालय में योजना बनाई जा रही है। आपको ये भी बताते चलें कि स्वर्गीय जीतेंद्र पाठक ने होशंगाबाद रोड स्थित पेबेल वे कालोनी में 26 लाख रुपये का मकान खरीदा था। मृत्यु के बाद पाठक को घर वसूली और कर्ज वसूली में कुर्की की बात कही जा रही थी। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 June 2022

नगरीय निकाय चुनाव को लेकर पीसीसी चीफ की बैठक

कमलनाथ - हमें संगठन को देखना है ,किसी विशेष को नहीं  नगरीय निकाय चुनाव को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री और  पीसीसी चीफ कमलनाथ ने कहा चुनाव की हमारी तैयारी चल रही है। टिकट को लेकर उन्होंने कहा कि दावेदारी सब करते हैं  लेकिन टिकट किसी एक को ही मिलेगी। उन्होंने कहा हमें संगठन को देखना है किसी एक व्यक्ति को नहीं देखना है।  नगरीय निकाय चुनाव को लेकर सभी पार्टियां बैठक कर रही  है।  टिकट को लेकर पार्टियों में घमासान जारी है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ ने कहा कि। चुनाव को लेकर कांग्रेस की तैयारियां चल रही हैं। उन्होंने कहा टिकट की दावेदारी सब कर ते हैं।  पर टिकट  किसी एक को मिलेगी। हमें किसी एक व्यक्ति की नहीं संगठन की रक्षा करनी है।  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ के आवास पर बैठक चल रही है। इसमें जिले के प्रभारी, विधायक, नगरीय निकाय के प्रभारी, पूर्व विधायक सहित वरिष्ठ नेता हिस्सा ले रहे हैं। इसमें प्रभारी की रिपोर्ट पर विचार किया जाएगा। पार्टी पदाधिकारियों का कहना है कि एक-दो दिन में महापौर पद के प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिए जाएंगे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने बुधवार को देर शाम कोर ग्रुप के साथ निकाय चुनाव की तैयारियों को लेकर बैठक की। इसमें तय किया गया कि विधानसभा चुनाव की तर्ज पर निकाय चुनाव लड़ा जाएगा। सभी वरिष्ठ नेताओं को इसमें जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। सभी सहयोगी संगठन के पदाधिकारियों को मतदाता संपर्क अभियान चलाने के साथ मतदान केंद्र का प्रबंधन देखना होगा। प्रत्येक निकाय स्तर पर आरोप पत्र और वचन पत्र जारी होगा। प्रदेश पदाधिकारियों ने बताया कि गुरुवार को होने वाली बैठक में एक-एक नगर निगम के चुनाव की तैयारियों पर चर्चा की जाएगी। महापौर के साथ-साथ पार्षद पद के लिए प्रत्याशियों के चयन के लिए जिला स्तरीय चयन समिति द्वारा तैयार रिपोर्ट पर विचार होगा। महापौर  पद को लेकर जल्द घोषणा की जा सकती है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 June 2022

वाहन चैकिंग के नाम पर आमजन से वसूली बंद हो -नारायण त्रिपाठी

मुख्यमंत्री को पत्र लिख पुलिसिया कार्यवाही पर उठाये सवाल मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी ने समूचे विन्ध्य क्षेत्र सहित संपूर्ण प्रदेश में गत चार-छः माह से थाना व ट्रैफिक पुलिस द्वारा शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में जगह-जगह वाहन चैकिंग के पाइंट लगाये जाकर आम लोगों में दहशत का वातावरण निर्मित कर अवैध वसूली रोकने हेतु मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर तत्काल रोक लगाने की मॉंग की है। उन्होंने कहा कि  भ्रमण के दौरान देखा जाता है कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी मुख्य मार्ग पर पुलिस द्वारा चैकिंग पाइंट बना लंबी लंबी कतार लगाकर वाहनों को रोककर कागजों की जांच के नाम पर वसूली की जाती है। गॉंव देहात के सामान्य लोग जो मोटर साइकिल से इलाज कराने, दवाई लेने, बाजार जाने, महिलाओं -बच्चों को साथ लिये नातेदारी -रिश्तेदारी, शादी-विवाह में आने जाने का काम कर रहे होते हैं वे इस जांच से सर्वाधिक पीड़ित होते हैं व वसूली का शिकार बनते हैं। जांच पाइंट के नाम पर आम शरीफ लोगों में भी दहशत का वातावरण बन गया है, अब लोग प्रसन्नता से घर से वाहन लेकर नहीं निकल पाते क्योंकि वे जानते हैं कि यदि रास्ते में पुलिस मिल गई तो किसी न किसी बहाने से चालान बनना या 100-200 रूपये का दंड लगना तय है। इस तरह के चैकिंग अभियान से सर्वाधिक पीड़ित गॉंव देहात के सामान्य सीधे-साधे सज्जन लोग होते हैं, जिनमें इस तरह की कार्यवाही से भय का माहौल बन चुका है। त्रिपाठी ने कहा कि हम भी चाहते हैं कि प्रदेश की पुलिस का भय अपराधियों व गड़बड़ी करने वालों में बने, बदमाशी, गुंडागर्दी, करने वाले अपराधी प्रवृत्ति के लोग पुलिस से डरें किंतु आम जनता में पुलिस का भय न बने। उन्होंने कहा कि सब लोग वाहन के वैध दस्तावेज, लायसेंस, बीमा होने पर ही वाहन चलायें किंतु इस हेतु दस्तावेज बनाने के कार्य का सरकार द्वारा सरलीकरण कर गॉंव-गॉंव अभियान चलाने की जरूरत है न कि इस नाम पर पुलिस को अवैध वसूली व आमजन को परेशान करने की छूट दी जायेे। उन्होंने कहा कि यह बेहद दुखद है कि अपराधियों के स्थान पर शरीफ लोगों में पुलिस का भय बन रहा है। जरूरी काम होने पर भी जब आम आदमी पुलिस के डर से घर से न निकलना चाहे तो यह चिंताजनक है। पुलिस द्वारा इस तरह का वातावरण निर्मित किया जाना अशोभनीय है। आज हमको आवश्यकता है कि बिना डर-भय के ऐसी स्थितियां निर्मित करें कि छात्र-छात्रायें, गॉंव देहात के आम लोग भी ड्रायविंग लायसेंस बननाने सहित अन्य जरूरी दस्तावेज साथ रखने के लिये प्रेरित हों ताकि वे पुलिस के सामने अपमान व आर्थिक लूट से बच सकें। त्रिपाठी ने विन्ध्य सहित पूरे प्रदेश में पुलिस द्वारा वाहन चैकिंग के नाम पर आम जनता व शरीफ लोगों में बनाये जा रहे भय से निजात दिलाये जाने हेतु मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आवश्यक कार्यवाही करने की मांग की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 June 2022

पंचायत चुनाव में निर्विरोध निर्वाचन के परिणाम

  सीएम शिवराज ने कहा ये आनंद  का क्षण      मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने  पंचायत चुनाव में निर्विरोध निर्वाचन की बात कही। जिसके रिजल्ट अब सामने आने लगे हैं।  सीहोर, धार हरदा  सहित प्रदेश के कई जिलों में  नामांकन पत्रों की जांच के बाद समरस पंचायत  की स्थिति बनी है। शिवराज ने इसको लेकर कहा कि   यह मेरे लिए आनंद और हर्ष का क्षण है कि पंचायत चुनाव में मध्य प्रदेश समरस पंचायतों की दिशा में आगे हो रहा है। यह समाज में आ रहे सकारात्मक परिवर्तन का परिचायक है। साथ ही महिला सशक्तीकरण का भी उदाहरण है। सीएम शिवराज ने  पहले नामांकन-पत्रों की जांच के बाद सामने आई स्थिति पर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि  हम सबका ध्येय केवल विकास और जनकल्याण है। मुझे खुशी है हमारी समरस पंचायतें और हम सभी इस दिशा में तेजी से बढ़ रहे हैं। हमारी बहनें बढ़ें, पंचायतें बढ़ें और मध्य प्रदेश विकास के क्षेत्र में एक नया इतिहास रच दे, मेरी यही कामना है। चुनाव में बुरहानपुर जिले की खकनार जनपद क्षेत्र की मांजरोद खुर्द पंचायत में बीते साठ साल से बिना किसी चुनाव के ग्राम पटेल और बाद में सरपंच चुनने की परपंरा कायम थी। इस बार इस पंचायत की महिला सरपंच सहित सभी 12 पंच पदों पर निर्विरोध महिला प्रतिनिधि बनने जा रही हैं। सीहोर के विकासखंड भैंरूंदा की ग्राम पंचायत ससली, बड़नगर, अम्बाजदीद, मोगराखेड़ा, कोसमी और लावापानी में सरपंच पद के लिए निर्विरोध निर्वाचन की स्थिति बन गई है। यहां सरपंच पद के लिए एक-एक उम्मीदवार ही मैदान में हैं। इसी तरह बुधनी विकासखंड में भी मढ़ावन, चीकली और जैत में भी निर्विरोध निर्वाचन की स्थिति बनी है। जैत ग्राम पंचायत मुख्यमंत्री का पैतृक गांव है। धार जिले की कुक्षी तहसील की नवादपुरा पंचायत में भी निर्विरोध निर्वाचन होगा। यहां सरपंच और सभी दस पंच पद के लिए एक-एक महिला ने नामांकन पत्र जमा किया है। निर्विरोध पंचायत चुनाव को लेकर कृषि मंत्री कमल पटेल ने कल कहा था कि हरदा में कई पंचायतें निर्विरोध चुनी गई है।  जिससे इन पंचायतों को अतिरिक्त लाभ मिलेगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 June 2022

रायसेन में भीषण सड़क हादसा

चार लोगों की मौत चार घायल रायसेन में  सागर मार्ग पर बुधवार सुबह  एक भीषण सड़क हादसा हो गया। जहां एक तेज रफ्तार कार सामने से आ रहे डंपर से जा टकराई। टक्‍कर इतनी जोरदार  थी कि कार पलटकर करीब 70 फीट तक घिसटती गई। कार में  सवार चार लोगों की मौके पर मौत हो गई। जबकि चार अन्‍य घायल हुए हैं।  जिन्‍हें जिला अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। बताया जा रहा है कि  कार भोपाल की ओर से सलकनपुर जा रही थी।जानकारी के अनुसार  ग्राम किशन निवासी सुरजीत ओढ़ अपने ससुर की शवयात्रा में शामिल होने परिजन के साथ सीहोर के ग्राम सलकनपुर जा रहे थे। उन्होंने इनोवा कार किराए पर ली थी। बुधवार सुबह पांच बजे वे घर से रवाना हुए। वह करीब डेढ़-दो किमी ही निकले होंगे, तभी सामने से आ रहे रेत से भरे डंपर ने उन्हें टक्कर मार दी। सड़क दुर्घटना में अनीता ओढ़ 38 वर्ष, उनकी बेटी नित्या 5 वर्ष, उनकी बुआ सास 55 वर्ष व चालक मनोहर गोयल 35 वर्ष की मौत हुई है। जबकि पति सुरजीत ओढ़ 43 वर्ष, इनकी मां रामबाई 70 वर्ष, भाई प्रमोद 45 वर्ष व बहन गुड्डी 55 वर्ष घायल हुए हैं। हादसे के बाद परिवार में शोक छाया हुआ है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 June 2022

सीएम शिवराज की अलीराजपुर प्रसासन के साथ बैठक

कन्या शिक्षा परिसर निर्माणअधूरा ,ठेकेदार ब्लैक लिस्टेड   मुख्यमंत्री ने बुधवार को आलीराजपुर जिले में संचालित विकास कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने वन विभाग की स्वीकृति नहीं मिलने के कारण लंबित तीन सड़कों के निर्माण पर नाराजगी जताते हुए कहा कि जिला स्तर पर निर्माण एजेंसियों तथा अन्य संबंधित विभागों के बीच समन्वय होना चाहिए। हम 21वीं सदी में रह रहे हैं, एजेंसियों इसके अनुरूप काम करें। काम लंबित होने से लागत भी बढ़ती है।आलीराजपुर में पांच कन्या शिक्षा परिसर का निर्माण कार्य स्वीकृत किया गया था। लेकिन यह अब तक पूरा नहीं हुआ है। 6 साल बीत जाने के बाद भी काम नहीं किया गया।  इसे लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नाराजगी जाहिर की।  उन्होंने  लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई को वीडियो काफ्रेंसिंग से जोड़ने के निर्देश दिए।  और फिर उन्हें संबंधित ठेकेदार को ब्लेक लिस्ट करने का आदेश दिया।  इसके साथ ही संबंधित इंजीनियरों के विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए कहा गया है । इसके अलावा जो शिक्षक अपनी ड्यूटी ठीक से नहीं कर रहे हैं, उन्हें समझाने और फिर भी अनुशासित तरीके से काम नहीं करने पर सेवा समाप्त करने के निर्देश दिए। शिवराज ने होने वाले पलायन को लेकर  कहा कि जनता का जीवनस्तर सुधारने के लिए योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। जो योजनाएं और विकास गतिविधियां पहले से संचालित हो रही हैं, वे आदर्श आचार संहिता से प्रभावित नहीं होगी  सीएम हेल्पलाइन, आवास प्लस में 89 प्रतिशत आवासों की स्वीकृति जारी कर प्रदेश में प्रथम स्थान पर रहने और गौरव दिवस पर लाडली लक्ष्मी क्रिकेट प्रीमियम लीग मैच का आयोजन की प्रशंसा की। जिले के कलेक्टर ने इस दौरान शासन की सभी योजनाओं की जानकारी दी।  पेयजल से लेकर अन्य योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी दी गई। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 June 2022

बीजेपी प्रदेश स्तरीय चुनाव प्रबंध समिति की बैठक

नगरीय निकाय चुनाव में संकल्प पत्र जारी होगा    निकाय चुनाव को लेकर सभी पार्टियां अपने संकल्प पत्र जारी कर रही हैं।  भाजपा भी  निकाय चुनाव में हर नगर निगम का संकल्प पत्र अलग-अलग जारी करेगी। यह निर्णय भाजपा की प्रदेश स्तरीय चुनाव प्रबंध समिति की बैठक में लिया गया है । बैठक में प्रदेश प्रभारी पी मुरलीधर राव, प्रदेश संगठन महामंत्री हितांनद, नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री भूपेंद्र सिंह, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसौदिया और प्रदेश चुनाव प्रबंध समिति के संयोजक भगवान दास सबनानी व चुनाव संचाल समिति के संयोजक उमाशंकर गुप्ता मौजूद थे। बीजेपी की बैठक में तय किया गया कि सभी जिलों और संभाग स्तर पर चुनाव समिति का गठन जल्द कर लिया जाए। वहीं पार्षद और महापौर को टिकट देने का क्राइटएरिया 9 जून की बैठक में फायनल किया जाएगा। पार्टी ने तय किया कि सभी सोलह नगर निगमों में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ही चुनाव प्रचार की कमान संभालेंगे। वहीं जहां जरूरत होगी, वहीं अन्य केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, प्रहलाद सिंह पटेल, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के कार्यक्रम तय किए जाएंगे। विधायक-पूर्व विधायक पर फैसला 9 को- पार्टी सूत्रों के मुताबिक महापौर के टिकट के लिए भाजपा नए चेहरों पर दांव लगा सकती है। जिससे पीढ़ी परिवर्तन का संकेत नीचे स्तर तक जाएगा । आपको बताते चलें हाल ही में बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने नेता पुत्रों को बीजेपी की जिम्मेद्दारी देने से परहेज की बात कही थी।  उन्होंने कहा था सब कार्यकर्ता की तरह काम करें। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 June 2022

किसानों की सहमति के बाद भूमि अधिग्रहण

लैंड पूलिंग योजना के तहत भूमि अधिग्रहण  निवेशकों को भूखंड उपलब्ध कराने के लिए किसानों से सहमति के आधार पर भूमि ली जाएगी। मध्य प्रदेश में औद्योगिक विकास द्वारा  इसमें भूमि का अधिग्रहण लैंड पूलिंग योजना के तहत किया जाएगा। इंदौर-पीथमपुर निवेश क्षेत्र में औद्योगिक विकास के लिए जिन किसानों से भूमि ली जाएगी, उन्हें भूमि की कलेक्टर दर के हिसाब से बीस प्रतिशत राशि नकद दी जाएगी। शेष 80 प्रतिशत राशि के बराबर की विकासित भूमि दी जाएगी। इसके साथ ही भोपाल के अचारपुरा औद्योगिक क्षेत्र में बहु उत्पाद कंपनियों को भूमि आवंटित की जाएगी। इसमें महिला उद्यमियों को प्राथमिकता मिलेगा। यह निर्णय मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में लिया गया। पीथमपुर  क्षेत्र में लैंड पूलिंग योजना के अंतर्गत सेक्टर चार, पांच और छह को विकास को ध्यान में रखते हुए किसानों से आपसी सहमति के आधार पर द्वितीय चरण में पांच सौ हेक्टेयर का अधिग्रहित किया जाना है। 124 किसान और अन्य भू-स्वामियों से सहमति प्राप्त हो चुकी है। बताया जा  है कि  जिस व्यक्ति की भूमि राष्ट्रीय या राज्य के राजमार्ग से पहुंच मार्ग पर उपलब्ध कराई जाएगी  उनको विकसित भूमि हाइवे के नजदीक उपलब्धता के आधार पर मिलेगी। भूमि अधिग्रहण के एवज में 153 करोड़ रुपये का मुआवजा किसानों को मिलेगा। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 June 2022

ईट राइट चैलेंज प्रतियोगिता में इंदौर को सम्मान

इंदौर को मिला प्रथम स्थान  इंदौर ने भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण की ईट राइट चैलेंज प्रतियोगिता में  देश भर में प्रथम सम्मान मिला। कार्यक्रम दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मार्ग स्थित एफड़ीए भवन में हुआ।  जहां केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मंडाविया ने इंदौर के अपर कलेक्टर अभय बेडेकर को यह सम्मान दिया । पिछले दिनों देश के 188 शहरों के बीच हुई इस प्रतियोगिता में इंदौर ने बाजी मारी और पांच बार स्वच्छता में आने के साथ-साथ ईट राइट चैलेंज में भी इंदौर पूरे देश में पहले स्थान पर रहा। कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा लगातार खाद्य प्रतिष्ठानों की जांच, मिलावटखोरों पर की गई कार्रवाई और कारोबारियों को दी गई समझाइश के परिणाम स्वरूप खाद्यान्न की गुणवत्ता भी सुधरने लगी, जिसके चलते यह महत्वपूर्ण पुरस्कार आज इंदौर को हासिल हुआ।इस मौके  पर इंदौर के खाद्य सुरक्षा अधिकारी धर्मेंद्र सोनी औऱ अवशेष अग्रवाल भी मौजूद रहे। आपको बताते चलें की इंदौर स्वच्छता में पांच बार नंबर वन पर रहा है। जिसको लेकर केंद्र ने इंदौर को पुरस्कृत किया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 June 2022

मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये

पन्ना में हादसे को लेकर गृहमंत्री ने जताया दुःख  पन्ना के तीर्थयात्रियों की बस‌ के दुर्घटनाग्रस्त होने पर गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा ने दुःख जताया है।  कहा कि उत्तराखंड में पन्ना जिले के तीर्थयात्रियों की बस‌ के दुर्घटनाग्रस्त होने का समाचार हृदयविदारक है। हादसे में पन्ना जिले के 25 लोगों की मृत्यु की सूचना से मन आहत‌ है। मृतकों की पार्थिव देह आज देहरादून से एयरफोर्स के विमान से खजुराहो आएगीं। जहां से उनके पैतृक गांव भेजा जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रात को ही उत्तराखंड पहुंच गए हैं। उन्होंने दुर्घटना में घायल हुए लोगों से मुलाकात कर समुचित इलाज के लिए निर्देश दिए हैं। नरोत्तम मिश्रा ने  एक टीम दिल्ली से उत्तराखंड के लिए रवाना हुई है, जो राहत, बचाव, इलाज के अलावा मृतक श्रद्धालुओं के शव परिजनों तक पहुंचाने की व्यवस्था करेगी। मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख व गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपए सहायता राहत राशि दी जाएगी। वहीं उन्होंने बताया की घयलों का उपचार जारी है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 June 2022

कांग्रेस नेता ने पत्नी को मारी गोली

विवाद के चलते मारी गोली , मौत  ग्वालियर में कांग्रेस नेता ने अपनी पत्नी गोली मार कर हत्या कर दी।  मामला थाटीपुर में दर्पण कालाेनी का है।  जहां कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता ऋषभ भदाैरिया ने अपनी पत्नी भावना की गाेली मारकर हत्या कर दी। घटना रात करीब ढाई बजे की बताई जा रही है । बताया जाता है कि पति पत्नी के बीच में किसी बात काे लेकर विवाद हो गया।  इसी दाैरान गुस्से में ऋषभ ने पत्नी पर फायर कर दिया। जिस समय ऋषभ ने जिस वक्त पत्नी को गोली मारी तब  बच्चे भी वहीं साे रहे थे।   मां काे गाेली लगते देख वह भी डर गए। आराेपित अपनी पत्नी काे गाेली मारने के बाद माैके से फरार है।  गौरतलब है कि दर्पण कालाेनी में ऋषभ भदाैरिया अपनी पत्नी और दाे बच्चाें के साथ रहते हैं।  उनके पास वाले घर में ही पिता एवं अन्य सदस्य रहते हैं। रात काे ढाई बजे गाेली चलने की आवाज सुनकर पिता एवं अन्य सदस्य भी घटनास्थल पर पहुंच गए। इसके बाद तत्काल पुलिस काे घटना की जानकारी दी गई। पुलिस ने मामले में जाँच शुरू कर दी है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 June 2022

उत्तराखंड में बस हादसे में पन्ना के 25 लोगों की मौत

पार्थिव शरीर एयरफोर्स के विमान से खजुराहो लाया जाएगा    उत्तराखंड में बस हादसे में पन्ना के लोगों का निधन हो गया। लोगों के पार्थिव शरीर एयरफोर्स के विमान से खजुराहो लाए जाएंगे। जहां से इन्हें पन्ना लाया जाएगा। मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने इसको लेकर गहरा दुःख जताया है।  उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। बताया जा रहा है कि सोमवार दोपहर 3:30 बजे तक एयरफोर्स का विमान खजुराहो एयरपोर्ट पहुंच जाएगा। यहां गाड़‍ियों के जरिए पार्थिव देह को तुरंत उनके गांव लाया जाएगा।  गौरतलब है कि हादसे के समय यात्री यमुनोत्री के दर्शन कर वापस लौट रहे थे। जहां वे दर्दनाक हादसे का शिकार हो गए।  हुए यात्री चार धाम की यात्रा के लिए निकले थे। ड्राइवर हीरा सिंह के अनुसार स्टेरिंग फेल हो जाने के कारण उसने बस को पहाड़ी की ओर मोड़ने की कोशिश की, लेकिन अनियंत्रित बस पेड़ से टकराकर खाई में जा गिरी। घटना के दूसरे दिन सोमवार को पन्ना कलेक्टर संजय कुमार मिश्र द्वारा मृतकों और घायलों की सूची अधिकृत रूप से उपलब्ध करा दी गई है। जिसमें हादसे के शिकार हुए अधिकांश व्यक्ति पन्ना जिले की सिमरिया तहसील अंतर्गत के रहवासी हैं। पन्ना जिला प्रशासन द्वारा जारी गई सूची में मृतकों की संख्या 25 बताई गई है, तो वहीं घायलों की संख्या 3 बताई गई है।  हादसे में मौत को लेकर  गांव में शोक का माहौल है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 June 2022

praveen kakkar

  (प्रवीण कक्कड़ ) ग्लोबल वॉर्मिंग का बढ़ना हम सभी के लिए चिंता का विषय है। चिंता होना भी स्वभाविक भी है, क्योंकि जिस तरह से पिछले कुछ वर्षों में पेड़ों का क्षरण हुआ है, प्रकृति का शोषण हुआ है उससे आने वाले समय में यह ग्लोबल वॉर्मिंग के बढ़ते स्तर के रूप में एक बड़ी चुनौती बन जायेगा। आज सारा विश्व चिंतित है। धरती की सतह का तापमान बढ़ रहा है। 2050 तक यह 2 डिग्री सेंटीग्रेड बढ़ जाएगा और यह ग्लेशियर पिघलने लगेंगे। हमने जिस तेजी से विकास के प्रति दौड़ लगाई उसमें हमने बहुत कुछ पीछे छोड़ दिया।  इनमें प्रकृति और पर्यावरण सबसे बड़े मुद्दे थे और अब आज साफ दिखाई दे रहा है कि हमारी नदियां हों, जंगल हों वायु, मिट्टी हो यह सब कहीं न कहीं खतरे में आ गयें हैं। यह सब प्रमाणित कर रहे हैं कि आज हमारे चारों तरफ जो कुछ भी हो रहा है यह सब इन्हीं कारणों से हैं। *आज विश्व पर्यावरण दिवस पर हमें समझना होगा कि पेड़ों की कटाई और पर्यावरण का क्षरण समाज के लिए किस तरह चिंता का विषय है। बेहतर है कि हम अभी से ही पर्यावरण के प्रति सजक रहें क्योंकि अगर पर्यावरण स्वस्थ होगा तभी हम स्वस्थ होंगे। बेहतर पर्यावरण के बगैर स्वस्थ जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। मैं खुद एक जागरुक नागरिक होने के नाते पेड़ों और पर्यावरण के प्रति हमेशा चिंतित रहता हूं। जब कभी देखने में आता है कि इस जगह पर इतने पेड़ काट दिये गये, उस जगह पर इतने पेड़ काटने की प्रक्रिया निरंतर चल रही है। यह सब देख निश्चिततौर पर मन में एक आक्रोश का भाव आता है। आक्रोश होना भी चाहिए कि क्योंकि अगर हम विकास के नाम पर पेड़ों की कटाई इसी तेजी के साथ करते चले गये तो वो दिन दूर नहीं जब हम सभी के लिए पर्यावरण संरक्षण एक चुनौती के रूप में सामने खड़ा हो जाये।   ( नहीं भूला जा सकता वो संकटकाल ) कोरोना काल का वो संकट भला कौन भूल सकता है जब पूरे देश में ऑक्सीजन के लिए हाहाकार मचा हुआ था। चारो तरफ अफरा-तफरी का माहौल था, एक-एक व्यक्ति के लिए ऑक्सीजन जुटा पाना किसी चुनौती से कम नहीं था। लेकिन हम सभी को इस पर विचार करना होगा कि प्राकृतिक सोर्सेस से कम होते ऑक्सीजन स्तर का जिम्मेदार कौन है ? कोरोना के संकटकाल में अगर हम ऑक्सीजन के लिए परेशान हुए तो इसका जिम्मेदार कौन है ? यकीन मानिए अगर आप थोड़ा भी इस पर विचार करेंगे तो आपको इसका जबाव स्वतः प्राप्त होगा कि ऑक्सीजन की कमी के जिम्मेदार कहीं न कहीं हम और हमारा समाज है। हम दिन प्रतिदिन ऑक्सीजन के प्राकृतिक रिसोर्सेस का क्षरण करते जा रहे हैं, पेड़ों को नष्ट कर नई बिल्डिंग, इमारतें, मॉल, आदि का निर्माण कर रहे हैं। मैं किसी भी प्रदेश और शहर के विकास का विरोधी नहीं हूं लेकिन विकास के नाम पर पेड़ों का इस तरीके से क्षरण हो, मैं उसके पक्ष में बिल्कुल नहीं हूं। क्योंकि आज यदि हम और आप मिलकर इस तरह से पेड़ों की कटाई कर देंगे तो वो दिन दूर नहीं जब आने वाली पीढ़ियां ऑक्सीजन के प्राकृतिक रिसोर्सेस के लिए परेशान होंगी।   ( आखिर नये पेड़ लगाने की जिम्मेदारी किसकी ) मैं किसी सरकार या पार्टी की बात नहीं कर रहा हूं, लेकिन पर्यावरण प्रेमी होने के नाते मेरे मन में केवल एक सवाल उठता है कि स्मार्ट सिटी के नाम पर जो भी पेड़-पौधों को काटा गया। उसके एवज में किस जमीन पर पेड़ लगाए गए। जिस समय पेड़ काटे जा रहे थे उस समय बहुत बड़ी बात हो रही थी कि इन पेड़ों को काटने के बाद नए स्थानों पर हजारों-लाखों पेड़ लगाए जाएंगे। लेकिन फिलहाल ऐसा कुछ होता दिखाई दे नहीं रहा है। अगर कहीं होता भी है, पेड़ लगाए भी जा रहे हैं तो वे पेड़ देखभाल के अभाव में पूरी तरह से नष्ट हो रहे है। अगर हमें सही मायनें में पेड़ लगाने का कार्य और पर्यावऱण संरक्षण की दिशा में काम करना है तो हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि पेड़ लगाने की जिम्मेदारी किसकी हो। आज विश्व पर्यावरण दिवस पर हम सभी को संकल्प लेना चाहिए कि पर्यावरण संरक्षण के लिए हम सभी जिम्मेदार हैं। अपने आसपास जितने कार्य हम पर्यावरण संरक्षण के लिए कर सकते हैं, वे सभी करें।   ( पर्यावरण संरक्षण के लिए इन सुझावों को आप अपने जीवन में उतार सकते है) 1. घर की खाली जमीन, बालकनी, छत पर पौधे लगायें 2. ऑर्गैनिक खाद, गोबर खाद या जैविक खाद का उपयोग करें  3. कपड़े के बने झोले-थैले लेकर निकलें, पॉलिथीन-प्लास्टिक न लें 4. लोगों को बर्थडे, त्योहार पर पौधे गिफ्ट करें 5. वायुमंडल को शुद्ध करने के लिए पेड़ लगाएं, भले एक पेड़ लगाएं लेकिन उसे बड़ा करने की जिम्मेदारी लें। 6. प्लास्टिक के खाली डब्बों में सामान रखें या पौधे लगायें 7. कागज के दोनों तरफ प्रिन्ट लें, फालतू प्रिन्ट न करें

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 June 2022

praveen kakkar

  (प्रवीण कक्कड़ ) ग्लोबल वॉर्मिंग का बढ़ना हम सभी के लिए चिंता का विषय है। चिंता होना भी स्वभाविक भी है, क्योंकि जिस तरह से पिछले कुछ वर्षों में पेड़ों का क्षरण हुआ है, प्रकृति का शोषण हुआ है उससे आने वाले समय में यह ग्लोबल वॉर्मिंग के बढ़ते स्तर के रूप में एक बड़ी चुनौती बन जायेगा। आज सारा विश्व चिंतित है। धरती की सतह का तापमान बढ़ रहा है। 2050 तक यह 2 डिग्री सेंटीग्रेड बढ़ जाएगा और यह ग्लेशियर पिघलने लगेंगे। हमने जिस तेजी से विकास के प्रति दौड़ लगाई उसमें हमने बहुत कुछ पीछे छोड़ दिया।  इनमें प्रकृति और पर्यावरण सबसे बड़े मुद्दे थे और अब आज साफ दिखाई दे रहा है कि हमारी नदियां हों, जंगल हों वायु, मिट्टी हो यह सब कहीं न कहीं खतरे में आ गयें हैं। यह सब प्रमाणित कर रहे हैं कि आज हमारे चारों तरफ जो कुछ भी हो रहा है यह सब इन्हीं कारणों से हैं। *आज विश्व पर्यावरण दिवस पर हमें समझना होगा कि पेड़ों की कटाई और पर्यावरण का क्षरण समाज के लिए किस तरह चिंता का विषय है। बेहतर है कि हम अभी से ही पर्यावरण के प्रति सजक रहें क्योंकि अगर पर्यावरण स्वस्थ होगा तभी हम स्वस्थ होंगे। बेहतर पर्यावरण के बगैर स्वस्थ जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। मैं खुद एक जागरुक नागरिक होने के नाते पेड़ों और पर्यावरण के प्रति हमेशा चिंतित रहता हूं। जब कभी देखने में आता है कि इस जगह पर इतने पेड़ काट दिये गये, उस जगह पर इतने पेड़ काटने की प्रक्रिया निरंतर चल रही है। यह सब देख निश्चिततौर पर मन में एक आक्रोश का भाव आता है। आक्रोश होना भी चाहिए कि क्योंकि अगर हम विकास के नाम पर पेड़ों की कटाई इसी तेजी के साथ करते चले गये तो वो दिन दूर नहीं जब हम सभी के लिए पर्यावरण संरक्षण एक चुनौती के रूप में सामने खड़ा हो जाये।   ( नहीं भूला जा सकता वो संकटकाल ) कोरोना काल का वो संकट भला कौन भूल सकता है जब पूरे देश में ऑक्सीजन के लिए हाहाकार मचा हुआ था। चारो तरफ अफरा-तफरी का माहौल था, एक-एक व्यक्ति के लिए ऑक्सीजन जुटा पाना किसी चुनौती से कम नहीं था। लेकिन हम सभी को इस पर विचार करना होगा कि प्राकृतिक सोर्सेस से कम होते ऑक्सीजन स्तर का जिम्मेदार कौन है ? कोरोना के संकटकाल में अगर हम ऑक्सीजन के लिए परेशान हुए तो इसका जिम्मेदार कौन है ? यकीन मानिए अगर आप थोड़ा भी इस पर विचार करेंगे तो आपको इसका जबाव स्वतः प्राप्त होगा कि ऑक्सीजन की कमी के जिम्मेदार कहीं न कहीं हम और हमारा समाज है। हम दिन प्रतिदिन ऑक्सीजन के प्राकृतिक रिसोर्सेस का क्षरण करते जा रहे हैं, पेड़ों को नष्ट कर नई बिल्डिंग, इमारतें, मॉल, आदि का निर्माण कर रहे हैं। मैं किसी भी प्रदेश और शहर के विकास का विरोधी नहीं हूं लेकिन विकास के नाम पर पेड़ों का इस तरीके से क्षरण हो, मैं उसके पक्ष में बिल्कुल नहीं हूं। क्योंकि आज यदि हम और आप मिलकर इस तरह से पेड़ों की कटाई कर देंगे तो वो दिन दूर नहीं जब आने वाली पीढ़ियां ऑक्सीजन के प्राकृतिक रिसोर्सेस के लिए परेशान होंगी।   ( आखिर नये पेड़ लगाने की जिम्मेदारी किसकी ) मैं किसी सरकार या पार्टी की बात नहीं कर रहा हूं, लेकिन पर्यावरण प्रेमी होने के नाते मेरे मन में केवल एक सवाल उठता है कि स्मार्ट सिटी के नाम पर जो भी पेड़-पौधों को काटा गया। उसके एवज में किस जमीन पर पेड़ लगाए गए। जिस समय पेड़ काटे जा रहे थे उस समय बहुत बड़ी बात हो रही थी कि इन पेड़ों को काटने के बाद नए स्थानों पर हजारों-लाखों पेड़ लगाए जाएंगे। लेकिन फिलहाल ऐसा कुछ होता दिखाई दे नहीं रहा है। अगर कहीं होता भी है, पेड़ लगाए भी जा रहे हैं तो वे पेड़ देखभाल के अभाव में पूरी तरह से नष्ट हो रहे है। अगर हमें सही मायनें में पेड़ लगाने का कार्य और पर्यावऱण संरक्षण की दिशा में काम करना है तो हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि पेड़ लगाने की जिम्मेदारी किसकी हो। आज विश्व पर्यावरण दिवस पर हम सभी को संकल्प लेना चाहिए कि पर्यावरण संरक्षण के लिए हम सभी जिम्मेदार हैं। अपने आसपास जितने कार्य हम पर्यावरण संरक्षण के लिए कर सकते हैं, वे सभी करें।   ( पर्यावरण संरक्षण के लिए इन सुझावों को आप अपने जीवन में उतार सकते है) 1. घर की खाली जमीन, बालकनी, छत पर पौधे लगायें 2. ऑर्गैनिक खाद, गोबर खाद या जैविक खाद का उपयोग करें  3. कपड़े के बने झोले-थैले लेकर निकलें, पॉलिथीन-प्लास्टिक न लें 4. लोगों को बर्थडे, त्योहार पर पौधे गिफ्ट करें 5. वायुमंडल को शुद्ध करने के लिए पेड़ लगाएं, भले एक पेड़ लगाएं लेकिन उसे बड़ा करने की जिम्मेदारी लें। 6. प्लास्टिक के खाली डब्बों में सामान रखें या पौधे लगायें 7. कागज के दोनों तरफ प्रिन्ट लें, फालतू प्रिन्ट न करें

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 June 2022

praveen kakkar

  (प्रवीण कक्कड़ ) ग्लोबल वॉर्मिंग का बढ़ना हम सभी के लिए चिंता का विषय है। चिंता होना भी स्वभाविक भी है, क्योंकि जिस तरह से पिछले कुछ वर्षों में पेड़ों का क्षरण हुआ है, प्रकृति का शोषण हुआ है उससे आने वाले समय में यह ग्लोबल वॉर्मिंग के बढ़ते स्तर के रूप में एक बड़ी चुनौती बन जायेगा। आज सारा विश्व चिंतित है। धरती की सतह का तापमान बढ़ रहा है। 2050 तक यह 2 डिग्री सेंटीग्रेड बढ़ जाएगा और यह ग्लेशियर पिघलने लगेंगे। हमने जिस तेजी से विकास के प्रति दौड़ लगाई उसमें हमने बहुत कुछ पीछे छोड़ दिया।  इनमें प्रकृति और पर्यावरण सबसे बड़े मुद्दे थे और अब आज साफ दिखाई दे रहा है कि हमारी नदियां हों, जंगल हों वायु, मिट्टी हो यह सब कहीं न कहीं खतरे में आ गयें हैं। यह सब प्रमाणित कर रहे हैं कि आज हमारे चारों तरफ जो कुछ भी हो रहा है यह सब इन्हीं कारणों से हैं। *आज विश्व पर्यावरण दिवस पर हमें समझना होगा कि पेड़ों की कटाई और पर्यावरण का क्षरण समाज के लिए किस तरह चिंता का विषय है। बेहतर है कि हम अभी से ही पर्यावरण के प्रति सजक रहें क्योंकि अगर पर्यावरण स्वस्थ होगा तभी हम स्वस्थ होंगे। बेहतर पर्यावरण के बगैर स्वस्थ जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। मैं खुद एक जागरुक नागरिक होने के नाते पेड़ों और पर्यावरण के प्रति हमेशा चिंतित रहता हूं। जब कभी देखने में आता है कि इस जगह पर इतने पेड़ काट दिये गये, उस जगह पर इतने पेड़ काटने की प्रक्रिया निरंतर चल रही है। यह सब देख निश्चिततौर पर मन में एक आक्रोश का भाव आता है। आक्रोश होना भी चाहिए कि क्योंकि अगर हम विकास के नाम पर पेड़ों की कटाई इसी तेजी के साथ करते चले गये तो वो दिन दूर नहीं जब हम सभी के लिए पर्यावरण संरक्षण एक चुनौती के रूप में सामने खड़ा हो जाये।   ( नहीं भूला जा सकता वो संकटकाल ) कोरोना काल का वो संकट भला कौन भूल सकता है जब पूरे देश में ऑक्सीजन के लिए हाहाकार मचा हुआ था। चारो तरफ अफरा-तफरी का माहौल था, एक-एक व्यक्ति के लिए ऑक्सीजन जुटा पाना किसी चुनौती से कम नहीं था। लेकिन हम सभी को इस पर विचार करना होगा कि प्राकृतिक सोर्सेस से कम होते ऑक्सीजन स्तर का जिम्मेदार कौन है ? कोरोना के संकटकाल में अगर हम ऑक्सीजन के लिए परेशान हुए तो इसका जिम्मेदार कौन है ? यकीन मानिए अगर आप थोड़ा भी इस पर विचार करेंगे तो आपको इसका जबाव स्वतः प्राप्त होगा कि ऑक्सीजन की कमी के जिम्मेदार कहीं न कहीं हम और हमारा समाज है। हम दिन प्रतिदिन ऑक्सीजन के प्राकृतिक रिसोर्सेस का क्षरण करते जा रहे हैं, पेड़ों को नष्ट कर नई बिल्डिंग, इमारतें, मॉल, आदि का निर्माण कर रहे हैं। मैं किसी भी प्रदेश और शहर के विकास का विरोधी नहीं हूं लेकिन विकास के नाम पर पेड़ों का इस तरीके से क्षरण हो, मैं उसके पक्ष में बिल्कुल नहीं हूं। क्योंकि आज यदि हम और आप मिलकर इस तरह से पेड़ों की कटाई कर देंगे तो वो दिन दूर नहीं जब आने वाली पीढ़ियां ऑक्सीजन के प्राकृतिक रिसोर्सेस के लिए परेशान होंगी।   ( आखिर नये पेड़ लगाने की जिम्मेदारी किसकी ) मैं किसी सरकार या पार्टी की बात नहीं कर रहा हूं, लेकिन पर्यावरण प्रेमी होने के नाते मेरे मन में केवल एक सवाल उठता है कि स्मार्ट सिटी के नाम पर जो भी पेड़-पौधों को काटा गया। उसके एवज में किस जमीन पर पेड़ लगाए गए। जिस समय पेड़ काटे जा रहे थे उस समय बहुत बड़ी बात हो रही थी कि इन पेड़ों को काटने के बाद नए स्थानों पर हजारों-लाखों पेड़ लगाए जाएंगे। लेकिन फिलहाल ऐसा कुछ होता दिखाई दे नहीं रहा है। अगर कहीं होता भी है, पेड़ लगाए भी जा रहे हैं तो वे पेड़ देखभाल के अभाव में पूरी तरह से नष्ट हो रहे है। अगर हमें सही मायनें में पेड़ लगाने का कार्य और पर्यावऱण संरक्षण की दिशा में काम करना है तो हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि पेड़ लगाने की जिम्मेदारी किसकी हो। आज विश्व पर्यावरण दिवस पर हम सभी को संकल्प लेना चाहिए कि पर्यावरण संरक्षण के लिए हम सभी जिम्मेदार हैं। अपने आसपास जितने कार्य हम पर्यावरण संरक्षण के लिए कर सकते हैं, वे सभी करें।   ( पर्यावरण संरक्षण के लिए इन सुझावों को आप अपने जीवन में उतार सकते है) 1. घर की खाली जमीन, बालकनी, छत पर पौधे लगायें 2. ऑर्गैनिक खाद, गोबर खाद या जैविक खाद का उपयोग करें  3. कपड़े के बने झोले-थैले लेकर निकलें, पॉलिथीन-प्लास्टिक न लें 4. लोगों को बर्थडे, त्योहार पर पौधे गिफ्ट करें 5. वायुमंडल को शुद्ध करने के लिए पेड़ लगाएं, भले एक पेड़ लगाएं लेकिन उसे बड़ा करने की जिम्मेदारी लें। 6. प्लास्टिक के खाली डब्बों में सामान रखें या पौधे लगायें 7. कागज के दोनों तरफ प्रिन्ट लें, फालतू प्रिन्ट न करें

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 June 2022

सीएम शिवराज की योजनाओं का लाभ

निकाय चुनाव में मिलेगा बीजेपी को लाभ  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की योजनाओं का लाभ निकाय चुनाव में मिलेगा।  जनता के हित की योजनाओं को लाया गया।   लाड़ली लक्ष्मी, तीर्थ दर्शन और मेधावी विद्यार्थी सहायता, किसान कल्याण और संबल जैसी योजनाओं की गूंज निकाय चुनाव में सुनने को मिलेगी। योजनाओं से लोगों का जीवन कैसे बदला, मध्य प्रदेश की तरक्की में इनकी क्या भूमिका है और कितने लोग लाभान्वित हो चुके हैं।  लाडली लक्ष्मी योजना में मध्य प्रदेश में करीब 44 लाख बालिकाओं का योजना में पंजीकरण हो चुका है। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना  देशभर में काफी चर्चित  है। करीब एक लाख बुजुर्ग देशभर के विभिन्ना तीर्थ स्थलों की यात्रा कर चुके हैं। इस योजना को भी कई राज्यों ने अपनाया है।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मेधावी विद्यार्थी योजना की शुरुआत की, जिसमें मेधावी विद्यार्थियों की उधा संस्थानों में फीस प्रदेश सरकार द्वारा भरी जा रही है। इस योजना से भी हजारों विद्यार्थी लाभान्वित हो चुके हैं। किसानों के हित में भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कई योजनाएं शुरू कीं। अब ओबीसी आरक्षण को लेकर शिवराज सरकार पर भरोसा जताया।  प्रदेश सरकार ओबीसी आरक्षण के लिए सुप्रीम कोर्ट गई। और अन्य पिछड़ा वर्ग को निकाय चुनाव में आरक्षण दिलाया।  हालंकि इस मामले में अभी सियासत जारी है। अब देखना यह होगा की जनता किसके पक्ष में जाती है।  कौन निकाय चुनाव में जीत हासिल करेगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 June 2022

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का सरकार पर निशाना

PEB में गड़बड़ी को लेकर सरकार को घेरा    पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड की शिक्षक भर्ती परीक्षा वर्ग तीन में जो गड़बड़ी हुई थी, उसकी जांच का खुलासा सरकार करे। लाखों युवाओं ने इस परीक्षा में भाग लिया था। बेरोजगार के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने के जो भी दोषी हैं, उन्हें न सिर्फ बेनकाब होना चाहिए बल्कि सरकार को उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई करनी चाहिए! पर ऐसा न करके उन्हें बचाया जा रहा है। यह आरोप प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने लगाया। कमलनाथ ने  ट्वीट किया कि भाजपा सरकार जांच के नाम पर समय खराब करके प्रदेश के लाखों बेरोजगार युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। जब जांच हो चुकी है तो फिर सरकार को निर्णय लेने में क्या परेशानी है। संगठित तरीके से अंजाम दिए गए इस घोटाले ने एक बार फिर प्रदेश में नौकारियों के लिए आयोजित होने वाली चयन परीक्षाओं को कठघरे में खड़ा कर दिया है। यदि अब भी सरकार ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया तो इससे गड़बड़ी करने वालों के हौसले बुलंद होंगे। जिन युवाओं ने परीक्षा दी, उन्हें न्याय कब मिलेगा, यह सरकार को स्पष्ट करना चाहिए। कमल नाथ ने सरकार से इस मामले में तत्काल निर्णय लेने की मांग की। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड में गड़बड़ी को लेकर कांग्रेस इन दिनों सरकार को आड़े हाथों ले रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 June 2022

बारातियों से भरी बस बिजली तार से टकराई

25 से ज्यादा लोग आग में झुलसे     सतना के  परसमनिया पठार रामपुर पहाड़ क्षेत्र में 11 kv विद्युत तार की चपेट में बारात बस के आने से लगभग 25 से ज्यादा लोग आग की चपेट में आकर झुलस गए।   जिन्हें देखने सिविल अस्पताल मैहर पहुँचे विधायक नारायण त्रिपाठी ने सरकार के मुख्यमंत्री,ऊर्जामंत्री और विभाग के सीएमडी को आड़े हाथों लिया। विधायक त्रिपाठी ने कहा कि इस तरह की घटनाएं न हो इसके लिए ऊर्जा मंत्री मुख्यमंत्री को संज्ञान लेना चाहिए। आज विद्युत विभाग के तारों की स्थित जर्जर है।  इन तारो में कसाव न होने के कारण काफी झूल चुकी है सड़क पार पर कोई सुरक्षा के मापदंड नही जिस कारण लोग घटनाओं के शिकार हो रहे है। लोगो के घरों के नजदीक लगे ट्रांसफार्मर घटनाओं को निमंत्रण दे रहे है।   लोगो के घरों के ऊपर से जा रही तारे घटना की वजह बन रही है जिसमे विभाग के सीएमडी को ध्यान दिया जाकर समस्या से निजात दिलाया जाना चाहिए। विजली  विभाग की अव्यवस्थाओ से आमजन मूक मवेशी घटनाओं के शिकार हो मौत के मुँह में समाहित हो रहे है लेकिन जिम्मेवार मौन है। परसमनिया पठार में हुई घटना के लिए विभाग के अधिकारियों सहित ऊर्जा मंत्री को जिम्मेवारी लेनी चाहिए। जानकारी के मुताबिक बस क्रमांक एमपी 35 p 0410 मैं सवार आदिवासी परिवार बेटी की शादी कर मैहर से सलेहा जा रही थी, इसी दौरान यह हादसा हो गया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 June 2022

त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारियां

344 उम्मीदवारों ने पर्चे दाखिल किए दतिया में  त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न हो इसके लिए जिले में तैयारियां की जा रही है।  आज  344 उम्मीदवारों ने पर्चे किए हैं।  यह जानकारी दतिया जिला कलेक्टर संजय कुमार ने दी है।  उन्होंने कहा त्रि-स्तरीय पंचायतों के निर्वाचन हेतु नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति के पांचवे दिन जिले में विभिन्न पदों हेतु 344 उम्मीदवारों ने अपने पर्चे दाखिल किए। जिसमें जिला पंचायत सदस्य पद हेतु 4 उम्मीदवारों ने, जनपद पंचयत सदस्य हेतु 48 उम्मीदवारों ने, सरपंच पद हेतु 227 और पंच पद हेतु 65 उम्मीदवारों ने संबंधित रिर्टनिंग आफीसर के समक्ष नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत किए।  पंचायतों में मतदाता उत्साह पूर्वक भाग ले इसके लिए भी गतिविधियां चलाई जा रही है।  जिले में सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं। साथ ही होटल रेलवे स्टेशन बस स्टैंड पर भी सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। जिले के होटलों में यात्री अनुविभागीय अधिकारी की परमिशन के बाद ही रोक सकेंगे आचार संहिता के साथ धारा 144 लगा दी गई है सभी शस्त्र निरस्त कर दिए गए हैं । नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की अंतिम तिथि 6 जून 2022 सोमवार को प्रातः 10.30 बजे से अपरान्ह 3 बजे रहेगी। 7 जून 2022 मंगलवार को प्रातः 10.30 बजे से नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा (जांच) होगी। 10 जून 2022 शुक्रवार को अपरान्ह 3 बजे तक अभ्यार्थी अपनी अभ्यर्थिता से नाम वापिस ले सकेगा। नाम वापिसी पश्चात् इसी दिन निर्वाचन लड़ने वाले अभ्यर्थियों की सूची तैयार कर उन्हें निर्वाचन प्रतीकों का आवंटन किया जायेगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 June 2022

इंदौर में कोरोना के 13 संक्रमित मिले

जून में कुल 30 संक्रमित मिले  इंदौर में कोरोना संक्रमण बढ़ने से एक बार फिर प्रशासन सख्ते में आ गया है।  शुक्रवार को शहर में 13 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं । और ये संक्रमित सिर्फ  231 सैंपलों की जांच में  मिले हैं।  संक्रमण दर 5.62 प्रतिशत हो गई है  । जून के तीन दिन में ही शहर में कोरोना के 30 संक्रमित मिल चुके हैं। यह अब गंभीर मामला बनता जा रहा है।  13 नए मामले मिलने से आशंका जताई जा रही है की मामले और भी बढ़ सकते हैं।  आपपको बताते चलें की इंदौर और भोपाल पहले भी कोरोना के लिए हॉट स्पॉट रह चुके हैं।  सबसे ज्यादा मामले भी यहीं से आए थे। कोरोना के मामले में इंदौर नंबर एक में रहा था। वहीं अब संक्रमितों की कांटेक्ट ट्रेसिंग भी नहीं की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि शासन स्तर पर कांटेक्ट ट्रेसिंग शुरू करने के संबंध में अब तक कोई दिशा निर्देश नहीं मिले हैं। दिशा निर्देश जारी होते ही कांटेक्ट ट्रेसिंग शुरू करेंगे।  इस बीच राहत वाली खबर यह है कि अभी तक मौत की खबर नहीं आई है।  और इंदौर में लगभग जनसँख्या को कोरोना टीके का दो डोज लग चुका है।  फिर भी लोगों को सावधानी बरतने की जरूरत है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 June 2022

इंदौर में कोरोना के 13 संक्रमित मिले

जून में कुल 30 संक्रमित मिले  इंदौर में कोरोना संक्रमण बढ़ने से एक बार फिर प्रशासन सख्ते में आ गया है।  शुक्रवार को शहर में 13 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं । और ये संक्रमित सिर्फ  231 सैंपलों की जांच में  मिले हैं।  संक्रमण दर 5.62 प्रतिशत हो गई है  । जून के तीन दिन में ही शहर में कोरोना के 30 संक्रमित मिल चुके हैं। यह अब गंभीर मामला बनता जा रहा है।  13 नए मामले मिलने से आशंका जताई जा रही है की मामले और भी बढ़ सकते हैं।  आपपको बताते चलें की इंदौर और भोपाल पहले भी कोरोना के लिए हॉट स्पॉट रह चुके हैं।  सबसे ज्यादा मामले भी यहीं से आए थे। कोरोना के मामले में इंदौर नंबर एक में रहा था। वहीं अब संक्रमितों की कांटेक्ट ट्रेसिंग भी नहीं की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि शासन स्तर पर कांटेक्ट ट्रेसिंग शुरू करने के संबंध में अब तक कोई दिशा निर्देश नहीं मिले हैं। दिशा निर्देश जारी होते ही कांटेक्ट ट्रेसिंग शुरू करेंगे।  इस बीच राहत वाली खबर यह है कि अभी तक मौत की खबर नहीं आई है।  और इंदौर में लगभग जनसँख्या को कोरोना टीके का दो डोज लग चुका है।  फिर भी लोगों को सावधानी बरतने की जरूरत है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 June 2022

ट्रॉली पलटने से पांच लोगों की मौत

घायलों का अस्पताल में चल रहा इलाज   बैतूल में बहुत ही दर्दनाक हादसा हो गया।  जहां एक ट्रॉली पलटने से पांच लोगों की मौत हो गई। मामला चिचोली थाना क्षेत्र में केसिया और कान्हेगांव मार्ग  की है।  ट्रैक्टर-ट्राली पलट जाने से उसमें सवार पांच लोगों की गंभीर चोट आई  . जहां चोट लगने से  मौत हो गई।  जबकि 20 लोग घायल हुए हैं।  चिचोली से राजेन्द्र दुबे ने बताया कि बोन्दरी गांव की बेटी का विवाह इमली ढाना में हुआ है। विवाह के कुछ दिन बाद बेटी को वापस लाने की परंपरा है। इसलिए ट्रैक्टर ट्राली में सवार होकर रिश्तेदार और ग्रामीण गए थे। रात में वापस आते समय कान्हेगांव और केसिया गांव के बीच सड़क के किनारे ट्रैक्टर ट्राली पलट गई। इससे बोदंरी गांव के सम्मु पिता मन्नी उईके उम्र 70 साल, ओझु पिता गरीबा अहाके 60 साल, शिवदयाल पिता करनु मर्सकोले उम्र 50 साल, मलिया पति मिजुं काकोडिया उम्र 50 साल और सुगंधी पति सूरज उम्र 55 साल की मौके पर ही मौत हो गई। घायलों को हंड्रेड डायल एवं संजीवनी 108 से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। सभी घायलों का प्राथमिक उपचार करने के बाद जिला अस्पताल रेफर किया गया है। जहां उनका इलाज जारी है।  मौत की खबर से पूरे इलाके में मातम छाया हुआ है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 June 2022

महापौर का पद उज्जैन में अनुसूचित जाति के लिए

नगरीय निकाय चुनाव  कार्यक्रम घोषित राज्य निर्वाचन आयोग ने  नगरीय निकाय चुनाव का कार्यक्रम घोषित कर दिया।  6 जुलाई को सुबह 7 से शाम 5 बजे तक 568 मतदान केंद्रों पर होगा। इसी के साथ शहर में चुनाव आदर्श आचार संहिता भी लागू हो गई। जारी पत्र के अनुसार उज्जैन नगर निगम के महापौर और 54 पार्षदों का चुनाव मतगणना और चुनाव परिणामों की घोषणा 11 दिन बाद 17 जुलाई को होगी। चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों की नामजद सूची का प्रकाशन 22 जून को ही होगा। इसके पहले निर्वाचन की सूचना का प्रकाशन 11 जून को होगा। इसी तारीख से महापौर और पार्षद पद के दावेदार अपना नाम निर्देशन पत्र यानी नामांकन जमा कर सकेंगे। नामांकन जमा करने की आखिरी तारीख 18 जून और नाम वापसी की तारीख 22 जून निर्धारित की गई है।उज्जैन नगर निगम चुनाव में नगर सरकार 4 लाख 61,103 मतदाता चुनेंगे। इनमें महिलाओं की संख्या दो लाख 30177, पुरुषों की संख्या दो लाख 30879 और थर्ड जेंडर मतदाताओं की संख्या 47 सम्मिलित है। 25 अप्रैल को प्रकाशित फोटोयुक्त अंतिम मतदाता सूची के अनुसार 18-19 वर्ष की आयु वाले 4316 युवाओं ने पहली बार वोटिंग का अधिकार पाया है।उज्जैन नगर निगम क्षेत्र के 54 में से 30 वार्डों में महिला मतदाताओं की संख्या ज्यादा है। महापौर का पद उज्जैन में अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 June 2022

जेपी नड्डा का जबलपुर में स्वागत

नरोत्तम मिश्रा का कांग्रेस पर निशाना  गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने जबलपुर में मीडिया से चर्चा की। उन्होंने कहा संस्कारधानी जबलपुर में विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा जी पधारे हैं। जबलपुरवासियों ने पलक पांवड़े बिछाकर नड्डा जी का स्वागत किया है। आज होने वाली भाजपा कोर ग्रुप की बैठक में समसामयिक विषय पर चर्चा होगी। उन्होंने कहा छत्तीसगढ़ और राजस्थान के लोग कांग्रेस को लाकर भुगत रहे है जनता ने कांग्रेस का झूठ लिखित में सुना भी है और पढ़ा भी है। नरोत्तम मिश्रा ने हार्दिक पटेल जी का भाजपा में हार्दिक स्वागत है। कांग्रेस में गांधी परिवार परिवरवाद का पोशाक है आज के समय में कांग्रेस के पास कार्यकर्ता नहीं बल्कि नेता ही बचे है इसलिए प्रदेश में हो रहे स्थानीय चुनावों में कांग्रेस में वंशवाद ही देखने को मिलेगा। दिल्ली और पंजाब के लोगों को अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखना चाहिए क्योंकि उनके स्वास्थ्य मंत्री भ्रष्टाचार में लिप्त है। नेशनल हेराल्ड केस में सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने कुछ नहीं किया तो उसे स्पष्ट करे। कांग्रेस नेतृत्व पर विधायकों की आस्था नहीं है सवाल यह है की कांग्रेस में ही चुनाव के समय बेड़ाबंदी क्यों होती है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा नड्डा जी मेरे आग्रह पर निवास पधारें उनका मैं हृदय से आभारी हूं। उन्हें काँग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आज के समय कांग्रेस के पास चुनावी रैली के लिए लोग नहीं है तभी कांग्रेस के नेता भाजपा के रैली में उमड़ी भीड़ को लेकर बौखला रहें है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 June 2022

उम्मीदवारों को सही जानकारी देना जरूरी

6 माह की सजा 25 हजार रुपये के जुर्माना  राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने कहा  कि आचार संहिता राजनीतिक दलों के साथ अभ्यर्थियों, शासकीय विभाग, नगरीय निकायों के पदाधिकारियों के साथ अधिकारियों-कर्मचारियों पर समान रूप से लागू होगी। कोलाहल नियंत्रण और संपत्ति विरूपण अधिनियम का उल्लंघन करने पर भी सजा का प्रविधान है। निर्वाचन से जुड़ी शिकायत के लिए आयोग के मुख्यालय में कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है।  0755- 2551076 पर कॉल कर जानकारी दी जा सकती है।  उम्मीदवार को नामांकन पत्र के साथ  उस पर दर्ज आपराधिक प्रकरण, शैक्षणिक योग्यता, चल व अचल संपत्ति का विवरण शपथ पत्र में देना होगा। इसमें यदि असत्य जानकारी दी जाती है तो निर्वाचन अपराध अधिनियम 1964 के प्रावधान  अनुसार छह माह की सजा और 25 हजार रुपये के जुर्माने से दंडित किया जा सकता है। आचार संहिता का पालन सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक जिले में पर्यवेक्षक नियुक्त किए जाएंगे। मतदान समाप्ति से 48 घंटे पहले सभा, जुलूस और रैली पर प्रतिबंध रहेगा। मतगणना रिटर्निंग आफिसर के मुख्यालय पर कराई जाएगी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 June 2022

बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष भोपाल दौरे पर

शिवराज वीडी शर्मा के नेतृत्व में चुनाव  बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भोपाल दौरे पर आये हुए हैं।  भाजपा कार्यालय में प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया । उन्होंने कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष  सोनिया-राहुल ग़ांधी  को ED के नोटिस पर कहा की चेहरा गड़बड़ है और वे आईना साफ कर रहे हैं।   कभी आपने देखा कि कोई मुजरिम बोले कि मैं बेईमान हूं।   उन्होंने कहा  राहुल गांधी न तो इंडियन, न नेशनल, न कांग्रेस के रह गए हैं।   कांग्रेस तो भाई-बहन की पार्टी है।   राहुल की भारत में कोई सुनता नहीं है इसलिए वे लंदन जाकर बोलते हैं।  कांग्रेस, कमीशन, करप्शन साथ-साथ चलते हैं। जेपी नड्डा ने कहा शिवराज सिंह चौहान और वीडी शर्मा की जोड़ी के नेतृत्व में अगला विधानसभा चुनाव लड़ा जाएगा।   शिवराज जी के नेतृत्व में अच्छी सरकार चल रही है।   जम्मू कश्मीर को लेकर BJP अध्यक्ष ने कहा- अब वहां चुनाव शांति से हो रहे हैं। इसीलिए वहां के नेताओं में फ्रस्ट्रेशन है।  भारत सरकार जम्मू-कश्मीर को मेन स्ट्रीम में लाने के लिए कटिबद्ध है।   CAA पर कहा- यह कॉमन सिटीजन को टच नहीं करता।  जो लोग बांग्लादेश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान से रिलीजियस बेसिस पर भारत आए हैं, उनको सिटिजनशिप राइट देने के लिए लाया जा रहा है। पी नड्डा ने कहा कोरोना काल में जब नेता ट्विटर पर मिलते थे, उस समय भारतीय जनता पार्टी ने जनता के बीच काम किया।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 करोड़ 74 लाख परिवार और गरीब लोगों को 5 लाख रुपए का सालाना हेल्थ कवर आयुष्मान भारत योजना के तहत देने का काम किया है।  गरीब कल्याण अन्य योजना के तहत मध्य प्रदेश में 43.53 लाख मीट्रिक टन अनाज वितरित किया गया है।  उन्होंने नेताओं के रिश्तेदारों  को जिम्मेदारी देने को लेकर कहा की  कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दी जाएगी।  भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भोपाल पहुंचे।   जहां उनका जोरदार स्वागत किया गया।   इस दौरान उन्होंने केंद्र और मध्यप्रदेश सरकार की की योजनों को लेकर कहा कि।  केंद्र और राज्य की योजनाओं के चलते गरीबी घटी है।  देश में कोरोना के बाद भी आज जीडीपी अच्छी स्थिति में हैं  . नड्डा ने इस मौके पर कांग्रेस के साथ अन्य पार्टियों पर भी निशाना साधा और कहा सभी पार्टियों में जगह परिवारवाद चल रहा है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 June 2022

नगरीय निकाय चुनाव दो चरणों में

मतदान 6 जुुलाई, दूसरी 13 जुलाई मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव दो चरणों में होंगे।  पहले चरण का मतदान 6 जुुलाई को, दूसरे चरण की वोटिंग 13 जुलाई को होगी।  ये चुनाव 318 नगरीय निकायों में होंगे। 11 जिलों में एक ही चरण में चुनाव संपन्न होगा, 38 जिलों में 2 चरणों में चुनाव होगा। तीन जिलों में चुनाव नहीं होगा यहां नगरीय निकायों का कार्यकाल पूरा नहीं हुआ है अलीराजपुर मंडला और डिंडोरी। कुल 19972 मतदान केंद्रों पर चुनाव कराया जाएगा। 87937 कर्मचारी चुनाव कराएंगे। पहली बार पार्षद के लिए व्यय सीमा निर्धारित की गई है। मतदाताओं को नोटा का अधिकार मिलेगा। अभ्यर्थियों को शपथ पत्र देना होगा आपराधिक रिकॉर्ड का विवरण भी देना होगा सुबह 7:00 से शाम 5:00 बजे तक मतदान होगा। रिटर्निंग ऑफिसर मुख्यालय पर मतगणना की जाएगी। भोपाल और इंदौर नगर निगम की प्रत्येक वार्ड के लिए पांच प्रतिशत ईवीएम रिजर्व रखी जाएंगी। मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय राजनीतिक दल के अभ्यर्थियों को आरक्षित प्रतीक चिन्ह आवंटित किए जाएंगे35 नवगठित नगर परिषद में 29 अभी चुनाव कराए जाएंगे 402 नगरीय निकायों की मतदाता सूची का प्रकाशन कर दिया है। नगर पालिका गढ़ाकोटा और खुरई मलाजखंड इनका क्षेत्र विस्तार है या कटौती की गई है इनमें वार्ड विभाजन अभी नहीं हुआ है इसलिए इनके भी चुनाव नहीं कराए जाएंगे अभी मतदाता सूची फाइनल होगी दलीय आधार पर होंगे नगरीय निकाय चुनाव।नगर पालिका गढ़ाकोटा और खुरई मलाजखंड इनका क्षेत्र विस्तार है या कटौती की गई है इनमें वार्ड विभाजन अभी नहीं हुआ है इसलिए इनके भी चुनाव नहीं कराए जाएंगे अभी मतदाता सूची फाइनल होगी। दलीय आधार पर होंगे नगरीय निकाय चुनाव। नगर निगम में 884 वार्ड, 76 नगर पालिका में 1795 वार्ड, पूर्व से गठित 226 नगर परिषद हैं इनके वार्ड 3393 और नवगठित 29 परिषद में 435 वार्ड हैं।महापौर का चुनाव सीधे जनता से होगा जबकि नगर परिषद और नगर पालिका में पार्षदों के माध्यम से चुनाव होगा। पहले चरण में 11 नगर निगम 36 नगर पालिका 86 नगर परिषद का चुनाव होगा। कुल 133 नगरीय निकायों का चुनाव होगा। 13148 मतदान केंद्र होंगे दूसरे चरण में नगर निगम 5 नगरपालिका 40 और 169 नगर परिषद के चुनाव कराए जाएंगे। कुंडली 214 नगरीय निकायों के चुनाव के चरण में होंगे। 6829 मतदान केंद्र बनाए गए हैं  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 June 2022

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य गरीब कल्याण सम्मेलन में

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य गरीब कल्याण सम्मेलन में मध्यप्रदेश में नई फ्लाइटें की जाएँगी शुरू    केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज मंगलवार को सुबह मानस भवन में आयोजित गरीब कल्याण सम्मेलन में कहा, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आपदा को अवसर में बदला। जो देश विदेशों से वैक्सीन मंगवाता रहा, वही देश अब 18 देशों को स्वदेसी वैक्सीन निर्यात कर रहा है। देश में 75 वर्षोंं में जो नहीं हुआ, वह पीएम मोदी के नेतृत्व में 8 वर्षोंं में कर दिखाया गया है। उन्होंने कहा, मोदी है तो सब संभव है। देश में 1860 के पुराने कानून बदले गए 1450 खारिज किये। कृषि क्षेत्र में 255 मीट्रिक टन के उत्पादन को 315 मीट्रिक टन तक पहुँचाया। उन्होंने कहा कि पारदर्शिता, जिम्मदारी और जवाबदेही तय कर भारत को विश्व पटल पर लाने का काम प्रधानमंत्री मोदी ने किया है। इस मौके पर सांसद राकेश सिंह ने पीएम आवास, पीएम स्वनिधि सहित अन्य योजनाओं पर प्रकाश डाला और पीएम मोदी की तारीफ की। सम्मेलन में बड़ी संख्या में हितग्राही और कर्यकर्ता मौजूद हैं। इस अवसर पर सिंधिया भोपाल- ग्वालियर फ्लाइट सेवा का शुभारंभ करेंगे। इसके बाद डुमना एयरपोर्ट में चल रहे विकास कार्यो का निरीक्षण करेंगे। शाम 6:50 बजे स्पाइस जेट की फ्लाइट से दिल्ली रवाना होंगे। 72 सीटर फ्लाइट का शुभारंभ विमानन कंपनी अलायन्स एयर जबलपुर-भोपाल-ग्वालियर-बिलासपुर के बीच 72 सीटर फ्लाइट शुरू कर रही है। फ्लाइट ग्वालियर से जबलपुर-सुबह 10.30 बजे रवाना होगी और सुबह 11.50 बजे पहुंचेगी। वहीं जबलपुर-भोपाल- दोपहर 1 बजे जबलपुर से रवाना होगी जो दोपहर 2.05 बजे भोपाल पहुंचेगी। भोपाल-बिलासपुर दोपहर 2.35 बजे भोपाल से चलकर शाम 4.25 बजे बिलासपुर पहुंचेगी। बिलासपुर-जबलपुर-शाम 5.00 बजे बिलासपुर से रवाना होकर शाम 6.05 बजे जबलपुर पहुंचेगी। हालांकि अभी ये सिर्फ जबलपुर-भोपाल-ग्वालियर के बीच उड़ाने भरेगी। बाद में इसे छत्तीसगढ़ के बिलासपुर से जोड़ा जाएगा। डुमना विस्तारीकरण के कार्यों का निरीक्षण डुमना में 412 करोड़ की लागत से चल रहे विस्तारीकरण कार्य का भी सिंधिया निरीक्षण करेंगे। ये मार्च 2023 तक पूरा होना है। इस एयरपोर्ट के नए टर्मिनल भवन का निर्माण चल रहा है। इससे यहां एक समय पर 500 पैसेंजर को प्रवेश मिलने की क्षमता होगी। इतना ही नहीं यात्रियों को टर्मिनल के अंदर से ही सीधे विमान में प्रवेश मिलेगा। टर्मिनल भवन से तीन एयरोब्रिज लगाए जा रहे हैं। विस्तारीकरण के बाद यहां एबी-320 तरह के विमान भी लैंड कर सकेंगे। नए टर्मिनल भवन के अलावा एटीसी टावर, तकनीकी ब्लाक, फायर स्टेशन श्रेणी सात,अन्य भवनों का निर्माण और रनवे सहित अन्य कार्य हो रहे हैं। 2015 में ही सरकार ने एयरपोर्ट अथॉरिटी आफ इंडिया को 483 एकड़ भूमि सौंप चुकी है।वहीं जबलपुर में केंद्रीय मंत्री ज्योतिराज सिंधिया ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान के द्वारा पूरे प्रदेश में नई फ्लाइट 1 शहरों से शुरुआत की जा रही है उसी कड़ी में जबलपुर में भी एक नई फ्लाइट शुरू की जा रही है वहीं जबलपुर के विधायकों और सांसद राकेश सिंह के प्रयासों से नई फ्लाइट का शुभारंभ किया गया है वहीं सांसद राकेश सिंह ने उन्हें और भी शहरों तक फ्लाइट चालू करने के लिए लिस्ट दी है जिसको लेकर भविष्य में कार्य किया जाएगा और नई फ्लाइट शुरू की जाएंगी वहीं केंद्रीय मंत्री ज्योतिराज्य सिंधिया ने कहा कि जबलपुर में पहले 5 शहरों तक फ्लाइट चलाई जा रही थी पर उसे भविष्य में बढ़ाया जाएगा देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा पूरे मध्यप्रदेश में नई फ्लाइट को विभिन्न शहरों से शुरू करने का प्रयास किया जा रहा है

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 June 2022

जिला पंचायतों में हुआ आरक्षण

 4 OBC वर्ग के लिए सीट आरक्षित  ओबीसी वर्ग के आरक्षण पर सियासत जारी है।  इस बीच  मध्यप्रदेश में 52 जिला पंचायतों में आरक्षण के लिए रिजर्वेशन हो गया है। जिसमे  52 जिला पंचायत अध्यक्ष सीट में  4 OBC वर्ग के लिए आरक्षित की गई है।  कुल 7% रिजर्वेशन मिला,  इस बार ओबीसी वर्ग की 9 सीटें घट गईं। पिछली बार  13 सीटें ओबीसी वर्ग के लिए आरक्षित की गई थी. लेकिन  जो इस बार घटकर 4 सीट ही रह गई है। पंचायती राज संचनालय के डायरेक्टर आलोक कुमार ने बताया कि ओबीसी का आरक्षण सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों पर किया गया है। आदेश में कहा गया है कि एससी-एसटी और ओबीसी का आरक्षण 50% से ज्यादा न हो। इस हिसाब से ओबीसी के लिए 4 सीटें आरक्षित की गई। मध्यप्रदेश के 52 जिलों में जिला पंचायत अध्यक्ष पद को लेकर तस्वीर साफ हो गई है। भोपाल में इस बार सिर्फ महिला ही जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव लड़ सकेगी। इंदौर, ग्वालियर में सीट SC महिला के लिए रिजर्व हुई है। 26 जिले अनारक्षित किए गए हैं। इससे पहले कांग्रेस ने बीजेपी पर ओबीसी वर्ग के साथ धोखा करने का आरोप लगाया था।  उधर बीजेपी ने इसके लिए कांग्रेस को दोषी ठहराया है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 May 2022

विवेक तन्खा ,कविता पाटीदार सुमित्रा वाल्मीकि के नाम

विवेक तन्खा ,कविता पाटीदार सुमित्रा वाल्मीकि के नाम  राज्यसभा सांसद के लिए कांग्रेस की ओर से सीनियर एडवोकेट विवेक तन्खा को दोबारा से राज्यसभा भेजा जा रहा है। तन्खा ने  नामांकन फार्म भर दिया है।  उधर भाजपा ने भी राज्यसभा की दोनों सीट के लिए इंदौर की कविता पाटीदार और जबलपुर की सुमित्रा वाल्मीकि के नाम घोषित कर दिए हैं।  दोनों ने मंगलवार को विधानसभा जाकर नामांकनपत्र भर दिया।  इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, सहित अन्य नेता माैजूद रहे। इस दौरान  कविता पाटीदार ने भाजपा को ओबीसी वर्ग का हितैषी बताया, तो वहीं सुमित्रा वाल्मिकी ने कहा कि भाजपा ने यह संदेश दिया कि पैसे के बिना भी दलित वर्ग के कार्यकर्ता इस मुकाम तक जा सकते हैं। कविता पाटीदार ओबीसी वर्ग से हैं। सुमित्रा वाल्मीकि एससी वर्ग की हैं। वहीं  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने  कहा- जो सालों से दिन-रात बिना किसी पद की आकांक्षा के पार्टी के काम को आगे बढ़ाने का काम कर रहीं थीं। प्रदेश की महामंत्री के रूप में बेटी होने के बावजूद कविता पाटीदार ने परिश्रम की पराकाष्ठा की। सुमित्रा वाल्मिकी ने भी चुपचाप एक शांत कार्यकर्ता, जो सबसे पीछे ओर नीचे की कतार की रहीं, ने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि उनका नाम राज्यसभा के उम्मीदवार के लिए के रूप में आएगा। प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा कि  पूरे नेतृत्व ने, सबने मिलकर दो ऐसे कार्यकर्ताओं का चयन किया है, जिनमें एक ओबीसी वर्ग से है और दूसरा दलित वर्ग का चेहरा है। ओबीसी वर्ग को साधने के लिए भाजपा ने ओबीसी चेहरे को राज्यसभा भेजने का निर्णय लिया। वहीं sc वर्ग को अपने साथ लेने के लिए भी राज्यसभा भेजा गया। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 May 2022

मध्य प्रदेश में पंचायत चुनावों की प्रक्रिया शुरू

चुनावो की वीडियोग्राफी करवाने के निर्देश दिए सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद मध्य प्रदेश में पंचायत चुनावों की प्रक्रिया शुरू की गई है। इसके बाद जल्‍द ही नगरीय निकाय चुनाव करवाने की भी तैयारी है। सोमवार से प्रदेश में पंचायत चुनावों के लिए नामांकन प्रक्रिया शुरू हुई।  राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने इन चुनावो की वीडियोग्राफी करवाने के भी निर्देश दिए हैं। राज्‍य निर्वाचन आयुक्‍त ने कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देशित किया है कि मतदान दिवस के पूर्व तथा मतदान के दिन एवं मतगणना दिवस को प्रचार-प्रसार के दौरान आचार संहिता से संबंधित प्रावधानों के पालन की निगरानी और अन्य कानून व्यवस्था संबंधी अप्रिय घटना को रोकने के लिए अनिवार्य रूप से वीडियोग्राफी कराई जाए। निर्वाचन आयुक्‍त ने कहा कि वीडियोग्राफी नाम निर्देशन-पत्र यानी नामांकन के लिये जाने के दौरान, विशेषकर नाम निर्देशन-पत्र प्राप्त करने के अंतिम दिन, नाम निर्देशन पत्रों की समीक्षा, नाम वापसी तथा प्रतीक आवंटन के दौरान, अभ्यर्थियों द्वारा किये जाने वाले प्रचार-प्रसार जैसे मंत्रियों, राष्ट्रीय तथा राज्य स्तरीय मान्यता प्राप्त दलों के वरिष्ठ राजनेताओं की सभा के दौरान, प्रचार-प्रसार के अंतिम दिवस को, रैली, जुलूस आदि के दौरान, आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायतें प्राप्त होने पर जां के दौरान, राजनीतिक सभाओं में व्यवधान उत्पन्न करने वाली घटनाएं, मतदाताओं को धमकाने, डराने संबंधी शिकायतें, मतदाताओं को प्रलोभन संबंधी शिकायतें, जैसे- पैसा, साड़ी, धोती, कंबल इत्यादि का वितरण, ईवीएम की तैयारी तथा रेंडमाइजेशन के दौरान, चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थियों, जैसे महापौर के अभ्यर्थियों द्वारा प्रचार-प्रसार पर एवं अन्य खर्चों की निगरानी के लिए, मतदान दिवस पर अति संवेदनशील मतदान केंद्रों पर, सामग्री एवं मशीनों का वितरण एवं प्राप्ति के समय, मतगणना के दौरान, परिणाम की घोषणा एवं डीएमएम की सीलिंग के दौरान, स्ट्रांग रूम के खुलने एवं बंद होने के दौरान और अन्य अवसरों तथा घटनाओं की वीडियोग्राफी, जरूर कराएं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 May 2022

वाणिज्यिक कर विभाग की कार्रवाई

वाणिज्यिक कर विभाग की कार्रवाई  8 व्यवसाइयों के 14 प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई     वाणिज्यिक कर विभाग ने जबलपुर, सागर, इंदौर, राजगढ़ में आठ व्यवसाइयों के 14 प्रतिष्ठानों पर एक साथ कार्रवाई  की।  और कर चोरी पकड़ी है। इन व्यावसायियों के यहां करोड़ों की नियम विरुद्ध खरीदी बिक्री की बात सामने आई है। करीब 40 से 50 करोड़ रुपये की नियम विरुद्ध खरीदी-बिक्री की गई है। करीब सात करोड़ रुपये की कर चोरी की गई है। 70अधिकारियों की टीम ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया । कार्रवाई के दौरान प्रतिष्ठानों में कई बोगस प्रतिष्ठान और बोगस बिलिंग पाई गई।  माल परिवहन के लिए दो पहिया वाहनों के पंजीयन पर ई-वे बिल डाउनलोड किए गए हैं। इंदौर में पदस्थ वाणिज्यिक कर आयुक्त लोकेश जाटव ने 70 अधिकारियों की अलग-अलग टीम बनाईं।   चारों जिलों में 14 प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई शुरू की गई।   व्यावसायियों ने जांच में बाधा पहुंचाने की कोशिश की। इन व्यावसायियों के खिलाफ जीएसटी अधिनियम की धारा 67-2 एवं 68 के तहत कार्रवाई की जा रही है। इसके साथ ही सेक्टर स्तर पर भी कार्रवाई शुरू कर दी गई है। विभाग की टैक्स रिसर्च एवं एनालिसिस विंग परिक्षेत्र इंदौर ने व्यवसायियों का जीएसटी पोर्टल, ई-वे बिल, गेन पोर्टल पर उपलब्ध डाटा का सूक्ष्म विश्लेषण किया। प्रेसनोट के जरिए वाणिज्यिक कर आयुक्त ने बताया कि छापे में कई प्रकार की अनियमितताएं सामने आई हैं। इस बात के भी प्रमाण मिले हैं कि रोलिंग मिल द्वारा बिना बिल के आयरन स्क्रेप की खरीदी कर उसका सरिया बनाकर बिना बिल के ही बेचा जा रहा है। परिवहन में भी अनियमितताएं पाई गई हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 May 2022

देश में बढ़ सकती हैं चीतों की संख्या

मप्र सरकार की चीता लाने की तैयारियां तेज  नामीबिया या फिर  दक्षिण अफ्रीका सरकार से चीता लाए जाने को लेकर भारत सरकार अनुबंध कर सकती है। उधर मध्य प्रदेश सरकार ने भी चीता लाने की तैयारियां तेज कर दी हैं। वन अधिकारियों और विशेषज्ञों का दल रविवार को दक्षिण अफ्रीका के लिए रवाना हो गया है। यह दल नामीबिया भी जाएगा। दल करीब 10 दिन वहां रहेगा और चीता की देखरेख सहित अन्य तकनीकी प्रशिक्षण लेगा। पहले चरण में 12 चीता लाए जा सकते हैं। मध्य प्रदेश के मुख्य वन्य प्राणी अभिरक्षक जेएस चौहान ने बताया कि दल चीता की देखरेख, उसे बेहोश कर शिफ्ट करने और उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखने का प्रशिक्षण लेगा ताकि कूनो पालपुर में बसाए जाने के बाद उनकी देखरेख में कहीं कोई परेशानी न हो।  नामीबिया सरकार साइटिस के खिलाफ भारत सरकार का साथ चाहती थी। यह संस्था वन्यप्राणियों के संरक्षण के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काम करती है और नामीबिया सरकार चीतों को मारकर उनके अंग बेचने की अनुमति देती है। इस मामले में संस्था ने नामीबिया पर दबाव बनाया हुआ है। इसमें कोई और देश उसका साथ नहीं दे रहा है। जानकार बताते हैं कि नामीबिया अब इस शर्त को हटा रहा है। नए समीकरणों के बीच अगस्त तक 12 चीता मध्य प्रदेश आने की उम्मीद जताई जा रही है। अधिकारियों को कहना है कि अगले हफ्ते अनुबंध होने के बाद चीता लाने की तैयारी शुरू हो जाएगी। चीता कैसे लाए जाएंगे, रास्ता क्या होगा आदि लगभग तय है, बस अनुबंध का इंतजार है। चीता आने से देश में जहां चीतों की संख्या बढ़ेगी वहीं पर्यटन भी बढ़ेगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 May 2022

राष्ट्रपति कोविन्द महाकाल की नगरी उज्जैन पहुंचे

आयुर्वेद में गुणवत्‍ता, शोध ,अनुसंधान का समय देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द मध्यप्रदेश के उज्जैन पहुंचे। जहां उन्‍होंने कालिदास अकादमी के पंडित सूर्यनारायण व्यास संकुल में अखिल भारतीय आयुर्वेद महासम्मेलन के 59वें अधिवेशन का उद्घाटन किया। कार्यक्रम के बाद राष्ट्रपति महाकालेश्वर महादेव मंदिर के दर्शन करने पहुंचे। जहां उन्हाेंने पत्नी के साथ  विधिविधान से भाेलेनाथ की पूजा अर्चना की।  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि भारतीय संस्‍कृति की अमूल्‍य धरोहर इस संस्‍था को लोकप्रिय बनाने में अनेक विभूतियों ने अपना योगदान दिया है। सभी लोगों को मध्‍य प्रदेश को आयुर्वेद का स्‍थाप‍ित केन्‍द्र बनाने के लिए प्रयास करना चाहिये। आयुर्वेद का अर्थ है आयु का विज्ञान। इसमें स्‍वास्‍थ्‍य रक्षा के साथ ही रोग निवारण पर भी बल दिया जाता है। कोविंद ने कहा आज गुणवत्‍ता, शोध और अनुसंधान का समय है। हमारे सामने अनेक चुनौतियां हैं उम्‍मीद है सब मिलकर इसे स्‍वीकारेंगे और प्र‍गति करेंगे। आहार, दिनचर्या ओर रितुचर्या के बारे में आयुर्वेद में ही बताया जाता है।इस क्षेत्र के लोगों से अपेक्षा है कि जन सामान्‍य में आयुर्वेद के प्रति जागरुकता बढ़ाई जाए। ऐसे लोग तैयार करें तो उपचार में योगदान दे सकें। लोगों को उपचार के लिए अनुसंधान निरंतर जारी रहे। सुखी जीवन का परम ध्‍येय बेतहर स्‍वास्‍थ्‍य है इसे सर्वोपरि रखना चाहिये। कार्यक्रम के दौरान आयुष मंत्री का संदेश भी प्रसा‍रित किया गया। समारोह में आयुर्वेद विशेषज्ञों को सम्‍मानित किया गया। राष्‍ट्रपति कोविंद ने शासकीय आयुर्वेदिक कालेज के नए भवन का लोकार्पण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं महाकाल की पवित्र धरती पर राज्‍य की जनता की ओर से राष्‍ट्रपति जी का स्‍वागत करता हूं। शिवराज ने राज्‍यपाल का भी स्‍वागत किया। यहां त्रिवेणी संगम है और महामहिम पवित्र कार्य के लिए पधारे हैं। यह अनादि काल से ज्ञान, वैराग्‍य की धरती है और यहां से लोक सेवा की प्रेरणा मिलती है। राष्ट्रपति के आगमन पर राज्यपाल मंगू भाई पटेल ने भी उनका स्वागत किया।  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद महाकाल के दर्शन करने जायेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 May 2022