Since: 23-09-2009

  Latest News :
बाबा साहब के सपनों को साकार करने वाली सरकार चुनें : मायावती.   भाजपा का संकल्प पत्र देशवासियों की एंबीशन पूरा करने का मिशन- प्रधानमंत्री.   फिल्म अभिनेता सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग.   इजरायल-ईरान संघर्ष के हालात पर भारत की दोनों पक्षों से संयम बरतने की अपील.   प्रधानमंत्री मोदी की गेमिंग क्षमता से प्रभावित हुए युवा गेमर्स ने उन्हें ‘नमो ओपी’ दिया नाम.   अगर नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं होते तो राम मंदिर का निर्माण नहीं हो पाता : राज ठाकरे.   प्रदेश में सबसे ज्यादा अपराध आदिवासी वर्ग पर हो रहे हैं: जीतू पटवारी.   44 घंटे तक रेस्क्यू के बाद भी बोरवेल में गिरे मासूम की नहीं बच पाई जान.   भाजपा ने बाबा साहब के योगदान को नई पहचान दीः नरेन्द्र मोदी.   जिन लोगों ने बाबा साहब को संसद जाने से रोका वही उनके नाम पर वोट मांग रहे : मुख्यमंत्री डॉ. यादव.   रीवा में बोरवेल में गिरे मासूम को निकालने के लिए रेस्क्यू जारी.   मां के साथ खेत पर गई दो बहनें तालाब में डूबी.   सड़क दुर्घटना में दो सगे भाइयों समेत तीन युवकों की मौत.   मैनपाट में घर में लगी आग की चपेट में आकर तीन बच्चे जिंदा जले.   बसपा ने छग की तीन सीटों के लिए की उम्मीदवारों की घोषणा.   सरोना ट्रेचिंग ग्राउंड को 5 दिन के भीतर साफ करने का अल्टीमेटम.   कोरबा में स्कूल वैन दुर्घटनाग्रस्त सात घायल.   कांग्रेस उम्मीदवार कवासी लखमा पर तीन थानों में दर्ज हुई एफआईआर.  

झाबुआ News


jhabua, Chief Minister ,Gulaliya, wore Jhuldi.

झाबुआ। प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव शनिवार को झाबुआ जिले के राणापुर में आयोजित भगोरिया मेले में शामिल हुए। इसके पूर्व रतलाम से रानापुर जाते हुए मुख्यमंत्री के काफिले को थांदला नगर की सीमा में प्रवेश करते ही रोक लिया गया, जहां उनका भावभीना स्वागत किया गया। होली ओर भगोरिया के रंग में सराबोर मुख्यमंत्री आज बहुत खुश नजर आए। थांदला में नगर परिषद चौराहे पर मुख्यमंत्री का आत्मीय स्वागत किया गया। मुख्यमंत्री ने भी उनका स्वागत करने पहुंचे सभी लोगों का अभिवादन हंसते हुए स्वीकार किया। उन्हें आदिवासी परंपरा की पहचान पारंपरिक पगड़ी और झुलड़ी पहनाई गई। मुख्यमंत्री मोहन यादव सड़क मार्ग से होते हुए आज शनिवार को रानापुर में आयोजित भगोरिया हाट में शामिल हुए। रानापुर में नगर की सीमा शुरू होते ही उनके स्वागत का सिलसिला शुरू हो गया था, जो कि सभास्थल जाने तक जारी रहा। मुख्यमंत्री रानापुर में खुली जीप में सवार होकर मुख्य बाजार से होकर गुजरे, उन्होंने उनके स्वागत में पहुंचे लोगों का अभिवादन किया। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने बाद में भगोरिया हाट में शामिल होने आए सभी जनों को होली की मंगल कामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने यहां आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहा कि विभिन्न दलों में कितने ही ऐसे झूठे बेईमान और चालाक लोग हैं, जो आपको झूठी बात कर भडक़ाते रहते हैं, लेकिन आप उनके बहकावे में न आएं। आप पूर्व की ही तरह भाजपा का साथ दें। डॉ मोहन यादव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व की भूरि भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि जिस प्रकार से नरेन्द्र मोदीजी के नेतृत्व में देश आगे बढ़ रहा है, और जिस प्रकार देश चहुंमुखी विकास की ओर अग्रसर है, यह निश्चित है कि दुनिया की कोई ताकत एक बार फिर से नरेंद्र मोदीजी की सरकार बनने से नहीं रोक सकती है। मुख्यमंत्री ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तरफ इशारा करते हुए कहा कि इसके पहले कई ऐसे सिद्धांतवादी नेता हुए कि उनके खिलाफ अगर रिपोर्ट हुई, अथवा किसी भी नेता का किसी केस में नाम आया तो उन्होंने तुरन्त अपना पद छोड़ दिया। उन्होंने लालकृष्ण आडवाणी और तत्कालीन रेल मंत्री लाल बहादुर शास्त्री के नाम का उल्लेख करते हुए कहा कि उन्होंने हमारे देश की महान परंपराओं का पालन किया। लेकिन दिल्ली के ये मुख्यमंत्री जिनके 21 नेता , 2 मंत्री और वो स्वयं भी शराब घोटाले में लिप्त पाए गए, परंतु पद नहीं छोड़ रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 March 2024

jhabua, Congress, Prime Minister Modi

झाबुआ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि मैं हाल ही में दक्षिण में गया था, वहां राम मंदिर को लेकर अनुष्ठान के समय मैंने जनता का उत्साह देखा। मैं वहां पूजा पाठ के लिए गया था। जनता मुझे आशीर्वाद देने आई। मैंने वहां आशीर्वाद की ताकत को महसूस किया है। मैं कल्पना नहीं कर सकता कि आपके सेवक को आप इतना आशीर्वाद देते हैं। कितने जन्मों के पुण्य के बाद मुझे आपका आशीर्वाद मिला। साल 2023 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की छुट्टी हुई थी, अब 2024 में कांग्रेस का सफाया तय है।     प्रधानमंत्री मोदी रविवार को मध्य प्रदेश के प्रवास के दौरान झाबुआ के गोपालपुरा में आयोजित जनजातीय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कार्यक्रम के जरिए मध्य प्रदेश में 2024 लोकसभा चुनाव प्रचार का आगाज किया।     झाबुआ जितना मध्यप्रदेश से जुड़ा है उतना ही गुजरात से प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम में आए लोगों का गुजराती में अभिवादन किया। उन्होंने झाबुआ की पावन मिट्टी को नमन करते हुए कहा कि माताओं-बहनों और जनजातीय समाज को आदरपूर्वक नमन। सभी को देखकर मन में वैसी ही खुशी हो रही है, जैसे परिजनों को देखकर होती है। झाबुआ जितना मध्यप्रदेश से जुड़ा है, उतना ही गुजरात से जुड़ा है। यहाँ रहते हुए मुझे यहाँ के जनजीवन और परम्पराओं से करीब से जुड़ने का मौका मिला था। आपके बीच आकर वही भाव ताजा हो जाता है। इन दिनों इस क्षेत्र में भगोरिया की तैयारी चल रही होगी। मै आप सभी को भगोरिया की शुभकामनाएं देता हूं। भगोरिया से पहले मुझे यहां ढेर सारी सौगात आपके चरणों में सुपुर्द करने का सौभाग्य मिला है।     यहां आने से पहले मैने देखा कि मेरी यात्रा को लेकर चर्चाएं हो रही है। कुछ लोग कह रहे हैं, मोदी मप्र में झाबुआ से लोकसभा की लड़ाई का आगाज करेगा। मैं बताना चाहता हूं मोदी लोकसभा चुनाव के प्रचार के लिए नहीं आया है। मै मप्र की जनता का आभार मानने आया हूं। मप्र में विस चुनाव के नतीजों से पहले आप पहले ही बता चुके हैं, लोकसभा के लिए आपका क्या मूड है।     इस दौरान प्रधानमंत्री ने अबकी बार 400 पार का नारा भी दोहराया। पीएम ने कहा कि एनडीए की 400 पास की बात मैं भी सुन रहा हूं। लेकिन अकेली भाजपा 370 पार करेगी। उन्होंने मौजूद लोगों से चुनाव की तैयारी में जुट जाने की अपील करते हुए कहा कि आपको यहां से आकर एक ही काम करना है। पिछले तीन चुनाव में आपके यहां पोलिंग बूथ में क्या रिजल्ट आया था, उसे निकालो और कितने वोट पड़े वह निकालो और कमल को किस पोलिंग बूथ पर ज्यादा वोट मिले उसे लिख लो और जहां ज्यादा वोट मिले वहां 370 वोट ज्यादा मिलने चाहिए, ऐसी तैयारी करें।     देश के उज्जवल भविष्य की गारंटी है आदिवासी समाज प्रधानमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश को बीमार बनाने के पीछे कांग्रेस का गाँव, गरीब और आदिवासी समाज के प्रति नफरत भरा रवैया था। कांग्रेस के लिए आदिवासी का मतलब कुछ वोट होता है। इन्हें गरीबों की याद सिर्फ चुनाव के समय याद आती थी। अटल जी की सरकार ने आदिवासियों के लिए अलग मंत्रालय बनाया। ये भाजपा की सरकार है, जिसने वन उपज पर एमएसपी में वृद्धि की। करीब 90 वन उत्पादों को एमएसपी के अंतर्गत लाया गया। हमारे लिए जनजातीय समाज वोट बैंक नहीं देश का गौरव है। देश के उज्जवल भविष्य की गारंटी है आदिवासी समाज।     उन्होंने कहा कि भगवान बिरसा मुदा की जयंती को जनजातीय गौरव दिवस, तांत्या मामा भील के लिए शहीदी दिवस मनाया जाता है। आज तिलक मांझी का दिवस है। उन्होंने बिहार के भागलपुर में 1784 में अंग्रेजी अफसर को तीर मार दिया था। आज जिन परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण हुआ उससे आदिवासी बच्चों को लाभ होगा।     सबसे पिछड़े और सबसे वंचित हमारी सरकार की प्राथमिकता मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने इतने वर्षों में सिर्फ 100 एकलव्य स्कूल खोले, जबकि भाजपा की सरकार ने इससे चार गुना ज्यादा स्कूल खोले हैं। एक भी आदिवासी बच्चा शिक्षा के आभाव में रह जाए यह संभव नहीं। भाजपा ने वन संपदा कानून में सुधार किया और आदिवासियों को उनके अधिकार लौटाए। इसके अलावा सिकल सेल एनीमिया के लिए हमारी सरकार ने काम किया। आज स्वामित्व योजना के माध्यम से लोगों को उनकी जमीन के कागज़ दिए जा रहे हैं। आज भी लाखों लोगों को स्वामित्व अधिकार पत्र दिए हैं। ये वो सुरक्षा पत्र है, जिससे जमीन विवाद में सुरक्षा मिलती है। लोगों की दो-जो पीढ़ी कोर्ट के चक्कर लगाती रहती थी। जो सबसे पिछड़े और सबसे वंचित है वही हमारी सरकार की प्राथमिकता है।   लूट और लड़ाई कांग्रेस के लिए ऑक्सीजन प्रधानमंत्री ने इस दौरान कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपने पापों के दलदल में फंस गई है। कांग्रेस अपनी हार सामने देखकर आखिरी दांव पेंच इस्तेमाल कर रहे हैं। जब ये सत्ता में रहते हैं तो लूटते हैं जब सत्ता से बाहर होते हैं तो लोगों को लड़वाते हैं। लूट और लड़ाई इनके लिए ऑक्सीजन है। ये लोग जाती, भाषा और इलाकों के नाम पर टूट करवाने में लगे हैं, लेकिन देश इनके मंसूबे कभी सफल नहीं होने देगा। ये लोग आदिवासी समाज का वोट मांगने तो आते हैं लेकिन जब एक आदिवासी महिला राष्ट्रपति बनाई जाती है तो अपना प्रतिनिधि उनके सामने खड़े कर देते हैं। आदिवासियों के लिए पक्के घर बनवाने के लिए ये लोग मोदी को गाली देते हैं। कांग्रेस को तो बस अपने महल की चिंता थी उन्होंने कहा कि हमारी सरकार मध्यप्रदेश के आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्स्चर विकास के लिए काम कर रही है। पिछली सरकारों के मुकाबले हम 24 गुना ज्यादा पैसा मध्यप्रदेश को दे रहे हैं। आज एक एक सेक्टर में करोड़ों रुपये भेजा जा रहा है। पहले जनजाति इलाकों तक रेल, सड़क की परियोजना पहुँचती ही नहीं थी क्योंकि कांग्रेस को तो बस अपने महल की चिंता थी। कांग्रेस के स्थानीय नेता आलाकमान से कहने लगे हैं कि, मोदी के खिलाफ अब किस मुंह से वोट माँगने जाएँ। कोई नेता जिम्मेदारी नहीं उठाना इस समय मध्यप्रदेश कांग्रेस के अंतरखानों में खूब भगदड़ मची है। जनता की उपेक्षा करने का यही फल होता है।   इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी जनजातीय सम्मेलन में 7500 करोड़ की सड़क, रेल, बिजली और जल क्षेत्र से संबंधित 22 विभिन्न विकास परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण कर राष्ट्र को समर्पित किया। प्रधानमंत्री मोदी रथ पर सवार होकर लोगों का अभिवादन करते हुए जनजातीय सम्मेलन के मंच तक पहुंचे। जनजातीय महासम्मेलन के मंच पर पहुंचने पर राज्यपाल मंगुभाई पटेल एवं मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका आत्मीय स्वागत व अभिनंदन किया। कार्यक्रम में शामिल होने के लिए अलग-अलग जिलों से बड़ी संख्या में आदिवासी समाज के लोग पहुंचे हैं। लोगों ने मोदी-मोदी ने नारे लगाकर उनका स्वागत किया। प्रधानमंत्री को आदिवासी जैकेट, पीला साफा, वनवासी राम का मोमेंटो और आदिवासी तीर कमान भेंट किया गया। कार्यक्रम से पूर्व पीएम मोदी ने जनजातीय महासम्मेलन में विभिन्न विकास कार्यों पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय जनजातीय मंत्री अर्जुन मुंडा, राज्यपाल मंगू भाई पटेल और मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव भी मौजूद थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 February 2024

jhabua, Grand Swayambhu Mata Lok , Chief Minister Shivraj

झाबुआ। आज स्वयं भू माता के दरबार में मां की कृपा से ही आया हूं। मैं प्रार्थना करता हूं कि हे माता आप स्वयंभू हो, हम सब पर आशीर्वाद की वर्षा करना, और है मां ऐसी कृपा करना कि हमारी जनता की जिंदगी में सुख, समृद्धि आए, ओर इनके पांव में एक कांटा भी न गड़ने पाए। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने बुधवार को इस प्रार्थना के साथ जिले के थान्दला विधानसभा क्षेत्र के ग्राम देवीगढ़ में अपना संक्षिप्त उद्बोधन दिया।   मुख्यमंत्री चौहान बुधवार को ग्राम देवीगढ़ में आयोजित भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ताओं से संवाद कार्यक्रम में आए थे और नवरात्र पर्व के दौरान जिले के प्रसिद्ध एवं अति प्राचीन स्थल श्री स्वयंभू माता मंदिर में पूजा अर्चना के बाद वहां उपस्थित जन समुदाय को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री चूंकि विलंब से देवीगढ़ पहुंचे थे, इसलिए उन्होंने क्षमा याचना करते हुए सीधे तौर पर कहा कि आज मुझे जल्दी लौटना होगा, किंतु वादा करता हूं कि थांदला में कलसिंह भाबर के लिए आशीर्वाद मांगने फिर आऊंगा और रोड शो भी करूंगा। उन्होंने थांदला विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी कलसिंह भाबर को विजयी बनाने की अपील भी की।   इस अवसर पर उन्होंने एक महत्वपूर्ण घोषणा करते हुए कहा कि जिले के देवीगढ़ में श्री स्वयंभू माता लोक का भव्य निर्माण होगा। उन्होंने कहा कि नर्मदा का जल अलीराजपुर के बाद अब झाबुआ जिले में भी आएगा। इसके लिए सर्वे करीब पूर्ण हो चुका है। चौहान ने भाजपा के जनजाति मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष एवं थांदला विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी कलसिंह भाबर की अस्पताल को विकसित स्वरूप दिए जाने की मांग के संदर्भ में कहा कि भाजपा सरकार ने प्रदेश में जहां स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर स्वरूप प्रदान किया है, वहीं सी एम राइज स्कूल के माध्यम से उच्चतम शिक्षा प्रतिमानों को भी स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि थांदला के सिविल अस्पताल को स्पेशलिटी अस्पताल में परिवर्तित कर सर्व सुविधायुक्त बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पैसा एक्ट के तहत अब ग्राम सभा के अनुमोदन पर वन भूमि के पट्टे दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए एवं प्रदेश की लाडली बहनों को आश्वस्त करते हुए कहा कि कांग्रेस द्वारा लाडली बहना योजनांतर्गत बहनों को राशि दिए जाने पर सवाल खड़े किए थे, किन्तु मैं डंके की चोंट पर बहनों के खाते में राशि डालूंगा, ओर यह राशि बढ़ाकर रूपए तीन हजार तक कर दी जाएगी। मुख्यमंत्री द्वारा श्री स्वयंभू माता मंदिर में पूजा के बाद कन्या पूजन का आयोजन भी रखा गया था, किन्तु जल्दबाजी के चलते मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान बगैर कन्या पूजन किए ही वापस लौट गए। बाद में आयोजकों एवं मंदिर में अनुष्ठान कर रहे पंडित जनों ने वहां मौजूद कन्याओं के पूजन की रस्म पूरी की।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 October 2023

jhabua, Family swept ,pond bursting

झाबुआ। जिले के थान्दला जनपद क्षैत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत बैड़ावा के बहादुर पाड़ा में बीती रात तालाब फूटने से हुए जल बहाव में एक ही परिवार के सात लोग बह गए। उक्त तालाब में बहे लोगों में आज रविवार को पिता पुत्री के शव बरामद कर लिए गए हैं, जबकि परिवार के पांच अन्य लोग अभी लापता बताए गए हैं। जानकारी मिलने पर थांदला अनुविभाग के प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे, ओर राहत कार्य सहित सर्च आपरेशन शुरू कर दिया गया।     अनुविभागीय दंडाधिकारी थान्दला तरूण जैन एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस थांदला रवीन्द्र राठी ने बताया कि उक्त तालाब फूटने के कारण तेज पानी के बहाव में सात लोग बह गए, जिनमें दो लोगों के शव बरामद किए गए हैं। शेष पांच लापता लोगों का पता लगाया जा रहा है। प्राप्त जानकारी अनुसार मेघनगर जनपद क्षेत्र के ग्राम खालखंडवी, कोड़ियापाड़ा में भी तालाब फूट गए हैं, किंतु वहां किसी जनहानि के समाचार नहीं है।   क्षेत्र में हो रही लगातार भारी बारिश के चलते जनहानि के साथ ही फसलों को भी भारी नुक़सान होने की जानकारी मिली है। भारी बारिश की स्थिति को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा अलर्ट जारी कर दिया गया है। एसडीएम थांदला एवं पेटलावद के अनुसार तालाबों की स्थिति पर नजर रखी जा रही है। जिले में लगातार हो रही भारी बारिश मे बीती रात थांदला अनुविभाग में आरईएस विभाग द्वारा निर्मित किए गए बहादुरपाड़ा तालाब का तटबंध फूट गया, परिणामस्वरूप जल बहाव में एक समूचा परिवार तबाह हो गया। अनुविभागीय दंडाधिकारी थान्दला तरूण जैन एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस थांदला रवीन्द्र राठी के अनुसार उक्त तालाब फूटने के कारण तेज पानी के बहाव में सात लोग बह गए, जिनमें दो लोगों के शव बरामद किए गए हैं। मृतकों के नाम है, नाहटिया, पुत्र धन्ना डामोर (26वर्ष) ओर लक्ष्मी पुत्री, नाहटिया (7वर्ष) दोनों पिता, पुत्री निवासी ग्राम पाड़ा धामंजर के है। शेष पांच लापता लोगों का पता लगाया जा रहा है। थांदला पुलिस से प्राप्त जानकारी अनुसार मृतक व्यक्ति का शव शनिवार देर रात ग्राम धामंजर के पास से बरामद किया गया, जबकि मृतका लक्ष्मी का शव आज रविवार को ग्राम देवीगढ़ स्थित श्री स्वयंभू माता मंदिर के समीप बरामद किया गया। भारी वर्षा के चलते पेटलावद अनुविभाग के अन्तर्गत माही नदी पर बने बांध के गेट खोल दिए गए हैं। परिणामस्वरूप पेटलावद जनपद क्षैत्र के माही नदी के किनारे वाले खेतों में जलभराव का खतरा उत्पन्न हो गया है। अनुविभागीय दंडाधिकारी, पेटलावद, अनिल राठौर ने बताया कि कुछ तालाबों के सायफन खोल दिए गए हैं, ओर प्रशासन स्थति पर नजर रखे हुए है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 September 2023

indore,Deputy Collector ,girl students

इंदौर/झाबुआ। अपनी कार्यशैली के कारण विवादास्पद रहे झाबुआ एसडीएम सुनील कुमार झा के खिलाफ झाबुआ थाने में मंगलवार की अलसुबह मुकदमा दर्ज हुआ है। उन पर तीन नाबालिग आदिवासी कन्याओं के साथ अश्लील हरकतें करने का आरोप लगा है। मामले में शिकायत होने के बाद उन्हें मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया और विशेष न्यायालय में पेश कर उन्हें जेल भेज दिया गया है।   जानकारी के अनुसार, डिप्टी कलेक्टर सुनील कुमार झा रविवार को दोपहर चार बजे के लगभग झाबुआ के नवीन आदिवासी कन्या आश्रम निरीक्षण के लिए अचानक पहुंच गए थे। आरोप है कि उन्होंने आदिवासी बालिकाओं से बातचीत करते हुए उन्हें गलत तरीके से छुआ। मामले में सोमवार को उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई थी। मामला सामने आने के बाद कलेक्टर के प्रतिवेदन पर कमिश्नर पवन शर्मा ने सुनील कुमार झा को सोमवार को ही निलंबित कर उन्हें बुरहानपुर अटैच कर दिया गया था। इसके बाद पुलिस ने उनके खिलाफ छेड़खानी के आरोप में पॉक्सो एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया है। मंगलवार को पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने के लिए उनके आवास पर पहुंची। पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर विशेष न्यायाधीश राजेंद्र कुमार शर्मा की न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय ने झा को फिलहाल एक दिन के लिए न्यायिक हिरासत में रखते हुए जिला जेल भेजने के आदेश दिए हैं। पीड़ित पक्ष को सुनने के बाद बुधवार को जमानत अर्जी पर सुनवाई की जाएगी। जेल ले जाने के पूर्व झा का पुलिस ने जिला अस्पताल ले जाकर मेडिकल करवाया। उल्लेखनीय है कि झा अपनी कार्यशैली के कारण लंबे समय से विवादों में हैं। पहले उन पर रेत माफियाओं से अवैध वसूली करने का आरोप लगा था। इस मामले में एक ऑडियो भी वायरल हुआ था। अब नाबालिग आदिवासी कन्याओं के साथ अनुचित व्यवहार करने का गंभीर आरोप लगा है। यह आरोप तीन कन्याओं ने लगाए हैं, जो 13-13 और 11 साल की हैं। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा है कि रविवार का अवकाश होने से वे आश्रम के बाहर खेल रही थी। तभी एसडीएम का वाहन आकर रुका। आश्रम निरीक्षण करते हुए वे उनके कमरा नंबर पांच पर एक बार आकर चले गए। फिर दूसरी बार वापस आकर बैठ गए। बातचीत करते हुए उन्होंने न केवल अश्लील हरकतें की, बल्कि अनुचित सवाल भी काफी देर तक किए जो उन्हें अच्छे नहीं लगे। बैड टच के बारे में जब अधीक्षिका को बताया तो उन्होंने तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करवाया। इसके बाद एसडीएम झा के खिलाफ कार्रवाई हुई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 July 2023

bhopal, Congress leader ,Vikrant Bhuria arrested

भोपाल/झाबुआ। मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया को रविवार को भोपाल जीआरपी ने झाबुआ से गिरफ्तार कर लिया। भूरिया ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की संसद सदस्यता खत्म होने के बाद शुक्रवार शाम भोपाल में ट्रेन रोककर प्रदर्शन का नेतृत्व किया था। पुलिस उन्हें लेकर भोपाल आ रही है, जहां उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। रानी कमलापति स्टेशन के जीआरपी थाना प्रभारी एमएस सोमवंशी ने बताया कि विक्रांत भूरिया, अखिलेश यादव, मनीष चौधरी समेत 15 अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 143, रेलवे एक्ट की धारा 145, 147 के तहत थाने में केस दर्ज किया गया था। इसी मामले में उन्हें रविवार को झाबुआ से गिरफ्तार किया गया है। उन्हें भोपाल कोर्ट में पेश किया जाएगा। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द होने से नाराज कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भोपाल में शुक्रवार शाम करीब 5.30 बजे रानी कमलापति रेलवे स्टेशन के पांच नंबर प्लेटफार्म पर जबलपुर की ओर जा रही चलती ट्रेन को रोक दिया था। उन्होंने करीब 15 मिनट तक रेलवे ट्रेक पर हंगामा किया। युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विकांत भूरिया समेत कई नेता इंजन के ऊपर चढ़ गए थे। इन लोगों ने यहां जमकर नारेबाजी भी की थी। पुलिस ने कांग्रेसियों को खदेड़ दिया था। हम चुप नहीं रहेंगे: विक्रांत भूरिया अपनी गिरफ्तारी के समय विक्रांत भूरिया ने कहा कि राहुल गांधी के प्रकरण से पहले जेपी नड्डा ने सभी ओबीसी सांसदों को बैठक पर बुलाया। ये साफ दिखाता है कि संसद से लेकर सभी लोग बीजेपी वालों के लिए काम कर रहे हैं। ये चाहते हैं कि जो ताकत से आवाज उठाएगा, उसकी आवाज बंद कर दें। हम चुप नहीं रहेंगे। आज ये लोग गिरफ्तार करने आए हैं, इन्हें लगता है हम डर जाएंगे, लेकिन मैं डरूंगा नहीं, इनके साथ जाऊंगा। यदि जेल जाना पड़ा तो जेल भी जाऊंगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 March 2023

bhopal, Halma , tribal tradition,Chief Minister

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमारे झाबुआ और अलीराजपुर जिले की हलमा परम्परा अद्भुत है। जनजातीय भाई-बहनों द्वारा सहभागिता की यह परम्परा आज दुनिया को ग्लोबल वार्मिंग से बचा सकती है। इस परम्परा से दुनिया को सीखना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कहते हैं कि ग्लोबल वार्मिंग से दुनिया को बचाना है तो अकेले सरकार नहीं बचा सकती। हलमा जैसी परम्परा में सरकार और समाज मिल कर खड़े हो जाएं तो हम दुनिया को बचाने का संदेश हलमा से दे सकते हैं। हलमा हमको सिखाता है कि कैसे हम मेहनत करें और जनता की भावना के साथ सरकार के साधन मिल कर काम को आसान बनाया जाए। मुख्यमंत्री चौहान रविवार को झाबुआ जिले के हाथीपाव पहाड़ी पर हलमा उत्सव और विकास यात्रा के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज मैं यहाँ हलमा उत्सव में आए सभी परमार्थियों का स्वागत और अभिनन्दन करने आया हूँ। उन्होंने शिवगंगा परिवार को हलमा की अद्भुत परंपरा को पुनर्जीवित करने और प्रतिष्ठा प्रदान करने के लिए बधाई और साधुवाद दिया। मुख्यमंत्री ने इस बात पर हर्ष व्यक्त किया कि हाथीपाव की पहाड़ी से यह अलख गांव-गांव पहुंच रही है। उन्होंने वनवासी समाज से आग्रह किया कि वे इस महान परंपरा को सतत बनाए रखें। चौहान ने कहा कि सरकार और समाज मिलकर खड़े हो जाएँ तो समूचा परिदृश्य बदल सकता है। समाज के संकल्प को सरकार के संसाधन मिलेंगे तो हम एक नया परिदृश्य निर्मित कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि वनवासी समाज की हलमा परंपरा अद्वितीय है। यह संकट में खड़े मनुष्य की सहायता का संदेश देती है। इस परंपरा को समूचे मध्यप्रदेश में विस्तारित करते हुए जल, मिट्टी और पर्यावरण-संरक्षण का कार्य करेंगे। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित सभी को इस आशय का संकल्प भी दिलाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की तस्वीर बदल दी है। केंद्र और राज्य की सरकार गरीब कल्याण को समर्पित है। मोदी जी के नेतृत्व को प्रणाम करता हूँ, जिन्होंने जनजातीय कल्याण के लिए कोई कसर शेष नहीं छोड़ी है। पिछली सरकार ने तो संबल और तीर्थ-दर्शन जैसी योजनाएं और अनुदान की व्यवस्थाओं को ही बंद कर दिया था। हमारी सरकार बहनों को आर्थिक रूप से सशक्त करने और परिवारों की बेहतरी के लिए लाड़ली बहना योजना आरंभ कर रही है। उन्होंने उपस्थित जन-समुदाय को शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन में अधिक से अधिक सहयोग कर जन-भागीदारी को प्रोत्साहित करने का संकल्प दिलाया। उन्होंने कार्यक्रम में जनजातीय भाई-बहनों को पेसा नियम के प्रावधानों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जनजातीय समाज को अधिकार संपन्न बनाने में पेसा नियम की अहम भूमिका रहेगी। प्रदेश में जनजातीय अंचल में धर्म परिवर्तन का कुचक्र चलने नहीं दिया जाएगा। छल-कपट से जनजातियों की ज़मीन छीनने की कोशिशों को सख़्ती से नकारा जाएगा। पेसा नियम में तेंदूपत्ता संग्रहण का अधिकार ग्राम सभाओं को दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में बड़ी संख्या में उपस्थित महिलाओं को लाड़ली बहना योजना की भी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि गरीब और निम्न मध्यमवर्गीय परिवारों की महिलाओं की मदद के लिए राज्य सरकार "लाड़ली बहना" योजना शुरू कर रही है। ऐसे गरीब परिवार की वार्षिक आय ढाई लाख रुपये से कम है, जिन किसान परिवारों के पास पांच एकड़ से कम भूमि है। ऐसे परिवार की महिलाएं इस योजना के लिए पात्र होंगी। योजना में बहनों को 1000 रुपये प्रति माह दिए जाएंगे। यह योजना गरीब परिवारों की हालत बदलने और कुपोषण का अंत करने में सहायक होगी। योजना के आवेदन मार्च-अप्रैल में लिए जाएंगे, मई में आवेदनों की जाँच होगी और जून माह की 10 तारीख से बहनों के खाते में पैसा आना आरंभ हो जाएगा। कार्यक्रम में सांसद सांसद गुमान सिंह डामोर ने भी संबोधित किया। शिवगंगा अभियान के राजाराम कटारा ने हलमा की परंपरा के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम में डॉ. दीपमाला रावत ने पेसा एक्ट के जनक स्व. दिलीप सिंह भूरिया पर केंद्रित प्रशस्ति-पत्र का वाचन किया। मुख्यमंत्री ने अन्य अतिथियों के साथ यह प्रशस्ति-पत्र स्व. दिलीप सिंह भूरिया की पुत्री पूर्व मंत्री निर्मला भूरिया को प्रदान किया। विकास कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास मुख्यमंत्री ने विकास यात्रा के समापन पर विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को हितलाभ प्रदान किया। साथ ही 26 करोड़ 17 लाख रुपये की लागत के 45 विकास कार्यों का लोकार्पण और 245 करोड़ 79 लाख रुपये लागत के विभिन्न निर्माण कार्यों का भूमि-पूजन भी किया। मुख्यमंत्री का कार्यक्रम स्थल पर भगोरिया नृत्य से स्वागत किया गया। मुख्यमंत्री ने किया श्रमदान   मुख्यमंत्री ने अपने साथ लाई गैती से हाथीपाव पहाड़ी पर श्रमदान भी किया। उन्होंने यहां जल-संरक्षण के लिए बनाई जा रही ट्रेंच में गैती चलाई और पीपल का पौधा भी रोपा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 February 2023

jhabua,Governor and  Chief Minister , Halma

झाबुआ। जिला मुख्यालय के करीब हाथीपावा में शिवगंगा संगठन द्वारा आयोजित दो दिवसीय सामुदायिक सहभागिता का श्रेष्ठ उदाहरण कहे जाने वाले हलमा आयोजन में शामिल होने के लिए रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान झाबुआ आए। जब मुख्यमंत्री गोपालपुरा हवाई पट्टी पर अपने हेलीकॉप्टर से उतरकर हलमा मैदान पहुंच रहे थे, तब वे अपने कंधे पर गैती उठाए हुए थे। उस वक्त हलमा आयोजन में शामिल होने आए झाबुआ सहित समीपवर्ती जिलों से हजारों की संख्या में वहां उपस्थित आदिवासियों ने आदिवासी अंदाज में हर्षध्वनि करते हुए गर्मजोशी से मुख्यमंत्री का स्वागत अभिनन्दन किया। इस मौके पर आदिवासियों ने अपने परम्परागत वाद्य ढोल मांदल भी बजाए।   हलमा कार्यक्रम में राज्यपाल मंगुभाई पटेल भी शामिल हुए। राज्यपाल और मुख्यमंत्री द्वारा हलमा आयोजन में श्रमदान भी किया गया। राज्यपाल द्वारा शनिवार को जब गैती यात्रा का शुभारंभ किया गया था, तब वे भी अपने कंधे पर गैती उठाकर यात्रा में कुछ देर शामिल हुए थे। आयोजन स्थल पर उपस्थित भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों, प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों सहित गणमान्य जनों ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया।   उल्लेखनीय है कि झाबुआ जिले में पर्यावरण और जल संरक्षण की दिशा में जमीनी स्तर पर कार्य करने वाले शिवगंगा संगठन द्वारा प्रति वर्ष 25 एवं 26 फरवरी को हलमा आयोजित किया जाता है। इस बार हलमा की तैयारियां करीब चार महीने पहले ही शुरू कर दी गई थी। इन तैयारियों के अंतर्गत संगठन के कार्यकर्ता मध्यप्रदेश सहित राजस्थान और गुजरात के 5 जिलों के कोई 2 लाख परिवारों में घर-घर हलमा का निमंत्रण लेकर पहुंचे थे। शनिवार को हलमा स्थल पर हजारों वाहनों में उक्त तीनों राज्यों के 50,000 से भी अधिक लोग गैती-फावड़े, तगारियां लेकर हलमा में सम्मलित होंने पहुंच गए थे। हलमा के लिए श्रमदान करने के लिए हाथीपावा पहुंचने का क्रम रविवार सुबह तक जारी रहा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 February 2023

Jhabu,  Truck ,full of gas cylinders

झाबुआ। झाबुआ जिले कसारबड़ी के समीप एपीजी सिलेंडरों से भरा ट्रक रोड़ पर पलट गया। ट्रक पलटते ही अंदर भरें सिलेंडरों में आग लग गई और पूरा इलाका मिसाइल जैसे धमाके से दहल गया। बताया जा रहा है कि इस घटना में दो लोगों की मौत हो गई।   झाबुआ जिले के पेटलावद थाना क्षेत्र अंतर्गत सारंगी पुलिस चौकी क्षेत्र के समीपस्थ ग्राम में कसारबड़ी के निकट बुधवार सुबह मुख्य मार्ग पर एलपीजी से भरा ट्रक थांदला-उज्जैन प्रमुख स्टेट मार्ग पर पलट गया। जिससे ट्रक में भरें गैस सिलेंडरों में आग लग जाने से सिलेंडर मिसाईल के भाती फटने लगें। जिससे क्षेत्र में बड़ी दहशत फैल गई।   सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस हादसे में सवार चालक और खलासी की मौके पर ही मौत हो गई, किंतु पुलिस द्वारा कोई पुष्टी खबर लिखें जाने तक नहीं की गई है। उक्त घटना की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन द्वारा 5 किलोमीटर के दायरे में प्रमुख मार्ग पर बैरिकेट्स लगाकर आवागमन पर रोक लगा दी गई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 February 2023

अलीराजपुर एवं झाबुआ में शराब की बिक्री पर प्रतिबंध संबंधी निर्देश जारी

  गुजरात सामान्य निर्वाचन 2022 में म.प्र. के सीमावर्ती जिलों में निर्देश  गुजरात विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 के लिए सीमावर्ती जिला अलीराजपुर एवं झाबुआ में शराब बिक्री पर प्रतिबंध एवं शुष्क दिवस घोषित किए जाने के संबंध में भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर प्रदेश के वाणिज्यिक कर विभाग ने आदेश जारी किया है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन ने बताया कि गुजरात राज्य की सीमा से लगे प्रदेश के सीमावर्ती क्षेत्रों में चरणानुसार मद्यनिषेध संबंधी निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा। मतदान क्षेत्र में किसी निर्वाचन के लिए मतदान समाप्त होने के लिए नियत समय के साथ समाप्त होने वाली 48 घंटे की अवधि के दौरान उस मतदान क्षेत्र के भीतर किसी होटल, आहार गृह, मधुशाला में अथवा किसी अन्य सार्वजनिक तथा निजी स्थान में कोई भी स्पिरिटयुक्त, किण्वित या मादक लिकर या वैसी ही प्रकृति का अन्य पदार्थ न विक्रय किया जाएगा न दिया जाएगा और न वितरित किया जाएगा। कोई भी व्यक्ति जो उपबंधों का उल्लंघन करेगा उसे 6 माह का कारावास या 2 हजार रुपये जुर्माना या दोनों से दंडनीय होगा।   जिला निर्वाचन अधिकारियों को इन बिंदुओं का पालन कराना होगा   गुजरात राज्य के सीमावर्ती जिलों की सीमा से 3 किलोमीटर की दूरी तक मतदान के समाप्त होने के निर्धारित समय से 48 घंटे पूर्व से व मतगणना तिथि को क्षेत्र की शराब की दुकानें बंद रखी जाएगी तथा शराब बिक्री पर प्रतिबंध को सख्ती से लागू किया जाएगा। साथ ही मतदान क्षेत्र में शराब के परिवहन की संभावना न रहे, ऐसे प्रयास किए जाएंगे।   मदिरा की दुकानें, होटल, रेस्टोरेंट, क्लब और अन्य सेलिंग प्वाइंट/सर्विस प्वाइंट आदि में शुष्क दिवस के आदेशों में उल्लेख अनुसार दिनांकों में किसी को भी शराब बिक्री एवं सेवा की अनुमति नहीं होगी।   गैर मालिकाना क्लब, होटल, रेस्टोरेंट आदि तथा ऐसे होटल जिनके पास विभिन्न श्रेणी की मदिरा प्राप्त करने तथा प्रदाय करने के लाइसेंस उपलब्ध है, इन्हें भी शुष्क दिवस के आदेशानुसार शराब बिक्री/सेवा की अनुमति नहीं होगी।   निर्देश में उल्लेख है कि उक्त अवधि के दौरान व्यक्तियों द्वारा शराब के भंडारण में कटौती की जाए तथा बिना लाइसेंस परिसर में शराब के भंडारण पर आबकारी कानून में प्रावधानित प्रतिबंध को सख्ती से लागू किया जाए। उल्लेखनीय है कि गुजरात राज्य में कुल 182 सीटों पर 2 चरण में सामान्य निर्वाचन 2022 कार्यक्रम जारी किया गया है। एक और 5 दिसंबर को मतदान एवं 8 दिसंबर को मतगणना होनी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 November 2022

एक दिवसीय दौरे पर झाबुआ के थांदला पहुंचे सीएम शिवराज

सीएम ने धूप में खड़े होकर सभा को किया संबोधित  झाबुआ में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभा को  संबोधित किया। एक दिवसीय दौरे पर झाबुआ व थांदला पहुंचे थे। इससे पहले  सीएम शिवराज सिंह चौहान ने झाबुआ में सभा के दौरान मंच से कहा कि मैं जानता हूं कि आज धूप तेज है। पार्टी ने थोड़ी कंजूसी कर दी, जनता धूप में हैं और हम यहां टैंट में बैठे हैं। इसे खोल दीजिए, जनता धूप में बैठी है तो मैं भी धूप में से ही बोलूंगा। इसके बाद मंच से नीचे आ गए।  इस मौके पर उन्होंने कहा प्रदेश में कोई माफिया नहीं चलेगा। सीएम ने झाबुआ के  मेघनगर महाविद्यालय भवन के शिलालेख का लोकार्पण किया। उन्होंने जलप्रदाय योजना की भी शुरुआत की। शिविर में उन्होंने मंच से सीधे ग्रामीणों से चर्चा की। विभिन्न योजना का लाभ मिलने के संबंध में ग्रामीणों से रूबरू हुए। एक ग्रामीण से तो उन्होंने आवास योजना की किश्त डालने के दौरान रिश्वत मांगने के संबंध में जानकारी ली। शिविर के बाद वे झाबुआ के राजवाड़ा चौक पहुंचे। यहां पर चुनावी सभा को संबोधित करने के दौरान करड़ावद राशन की दुकान में राशन नहीं मिलने की शिकायत पर उन्होंने जिला आपूर्त अधिकारी को हटाने के निर्देश दिए। शिविर के दौरान चौहान ने कहा कि अगर अधिकारी ईमानदारी से कार्य करेंगे तो मैं उनकी पूजा कर कंधे पर बिठाऊंगा। अगर बेईमानी से कार्य किया तो नहीं छोडूंगा। मंच पर देवझिरी पंचायत के सचिव को बुलाया गया। उनसे हितग्राहियों के संबंध में जानकारी ली गई। इस दौरान उन्होंने जिला पंचायत सीईओ से आयोजित शिविर के बारे में जानकारी ली। आवास योजना के संबंध में भी उन्होंने ग्रामीणों से सीधा संवाद किया। ग्रामीणों से पेंशन, राशन के साथ ही अन्य योजनाओं के बारे में जानकारी ली। इस दौरान नब्बू नामक हितग्राही को उन्होंने मंच पर बुलाया और आवास योजना के बारे में चर्चा की। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 September 2022

   Gabbar Bane Ti

टीआई दांगी गब्बर बताने के बाद अब विवादों में      झाबुआ के एक  टीआई के एल दांगी को फिल्म 'शोले" का 'गब्बर" बनना भारी पड़ गया  |  टीआई का वीडियो वायरल  होने के बाद  एसपी ने नोटिस जारी कर टीआई से जवाब मांगा है  | झाबुआ के कल्याणपुरा इलाके में हर साल 15 नवंबर को मथना बाबा का मेला लगता है  |  इसमें बड़ी संख्या में लोग पहुंचते हैं |  इस बार कोरोना के चलते मेले के आयोजन पर रोक लगी थी  | जहाँ माइक पर टीआई शोले के डायलॉग बोलते नजर आते थे  |  टीआई केएल दांगी रविवार सुबह गश्त पर निकले |  माइक पकड़कर उन्होंने कहा कि '50-50 कोस दूर जब बच्चा रोता है, तो मां कहती है कि बेटा चुप हो जा, नहीं तो केएल दांगी आ जाएगा  |  दांगी के गब्बर वाले डायलॉग का वीडियो वायरल हो गया  |  मामला पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता के पास पहुंचा तो उन्होंने दांगी को नोटिस जारी कर दिया   | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 November 2020

 PM IMRAN KHAN

टमाटर चाहिए तो पहले PoK दो और माफी मांगो   झाबुआ के 150 से अधिक किसानों ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को टि्वटर और डाक विभाग के जरिए पत्र भेजकर कहा है कि अगर पाकिस्तान को टमाटर चाहिए तो वः सबसे पहले p o k  कश्मीर वापस करे  | औरभारत से माफ़ी मांगे  |  ईरान से टमाटर मंगाने के बाद भी पाकिस्तान पर टमाटर संकट बरकरार है  |  पाकिस्तान में टमाटर 400-500 रुपए किलो बिक रहा है  |  ऐसे में  टि्वटर के जरिए भारतीय किसान यूनियन की झाबुआ जिला इकाई ने इमरान को कहा कि बाघा बार्डर से आपके देश में टमाटर जाते थे, लेकिन आतंकवादियों और आपकी सेना ने हमारे देश के निर्दोष लोगों पर हमले किए, आतंकवाद फैलाया, 26/11 व पुलवामा जैसे हमले करवाए  |  इसके बाद हमारे देश और हमने आपको टमाटर नहीं देने का फैसला लिया  |  पकिस्तान  में जनता की टमाटर को लेकर खराब हालत के बाद हम टमाटर उत्पादक किसान इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि अगर पाकिस्तान भारत के दुश्मनों को हमारी सरकार को सौंप दे और अनधिकृत रूप से कब्जा किए कश्मीर  को शांतिपूर्वक भारत को सौंप दे तो भारतीय किसान यूनियन झाबुआ जिला इकाई अपने जिले के उत्पादक किसानों को बैठाकर आपके देश में टमाटर भेजने पर विचार कर सकती है  .| किसानों ने आखिर में लिखा कि उम्मीद है कि हमारे इस प्रस्ताव पर आप गंभीरता से अपने देश के नागरिकों के हित में विचार करेंगे  |  झाबुआ के  किसानों ने कई साल तक पाकिस्तान को टमाटर निर्यात  किया है  |  किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष महेंद्र हामड़ ने कहा 18 सितंबर 2016 को हुए उरी आतंकवादी हमले के बाद से किसान नाराज थे और पाकिस्तान टमाटर भेजना बंद कर दिया था  |  इससे पहले करीब डेढ़ दशक से पाकिस्तान टमाटर यहां से भेजे जाते थे  |  ग्राम बावड़ी, पेटलावद सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्र के 150 से अधिक किसानों ने इस प्रकार का पत्र किसान यूनियन के माध्यम से पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को लिखा है और उस पर हस्ताक्षर किए हैं   |                  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 November 2019

upchunav

हाईकमान तय करेगा कौन बनेगा अध्यक्ष | पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता कांतिलाल भूरिया ने कहा कि झाबुआ उपचुनाव में कांग्रेस की जीत होगी | भूरिया ने कहा कि बीजेपी ने जो विकास कार्य  15 साल में नहीं किये वो मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 6 महीने में कर  दिखाए | झाबुआ उपचुनाव पर कांतिलाल भूरिया ने कहा पूरा प्रदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ के द्वारा किये गए विकास कार्य को देख रहा है | बीजेपी ने जो काम पंद्रह साल में नहीं किये उसे  मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 6 महीने में कर दिया |  बीजेपी ने रोजगार गारंटी बन्द कर दी थी | लेकिन कांग्रेस सरकार ने यह योजना चालू कर दी है |  लोगों को हमारी सरकार पर भरोसा है |  मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर कांतिलाल भूरिया ने कहा  कांग्रेस हाईकमान तय करेगा की अगला अध्यक्ष कौन बनेगा  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 September 2019

jhabua

चौकी प्रभारी ने लगाई फांसी  झाबुआ के झकनावदा पुलिस चौकी प्रभारी भागीरथ बघेल ने पुलिस चौकी के पास बने कवार्टर मे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली  ... बघेल ने ऐसा क्यों किया इस बात का खुलासा अभी नहीं हुआ   झाबुआ के पेटलावद तहसील के झकनावदा में चौकी प्रभारी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली  ... बताया जा रहा है कि प्रभारी भागीरथ बघेल चौकी के पास ही बने अपने क्वार्टर में रहते थे और यहीं उन्होंने खुदकुशी कर ली  ... अभी खुलासा नहीं हो पाया है कि बघेल ने यह कदम क्यों उठाया   ... इस घटना के बाद बड़े अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटना स्थल का निरिक्षण किया  ... 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 June 2019

तेंदूपत्ता संग्राहक

मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने आज झाबुआ जिले के ग्राम सुतरेटी में असंगठित श्रमिक एवं तेंदूपत्ता संग्राहक सम्मेलन में कहा कि प्रदेश में फसल काटने, गिट्टी तोड़ने और हम्माली करने वाले श्रमिकों तथा ढ़ाई एकड़ से कम जमीन वाले किसानों को विभिन्न योजनाओं का भरपूर लाभ दिया जायेगा। राज्य सरकार बिना किसी भेदभाव के सभी जरूरतमंदों और गरीबों को जन-कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित कर रही है। श्री चौहान ने इस मौके पर नर्मदा-झाबुआ सिंचाई परियोजना के लिये 2050.70 करोड़ रूपये स्वीकृत करने की घोषणा की। सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के पात्र हितग्राहियों को हित-लाभ एवं वनाधिकार पट्टों का वितरण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि झाबुआ जिले में असंगठित श्रमिक कल्याण योजना में पंजीकृत 3 लाख 66 हजार गरीबों को जमीन का मालिक बनाया जाएगा। प्रत्येक पट्टे पर प्रधानमंत्री आवास और मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत मकान बनवाकर दिए जायेंगे। वर्ष 2022 तक सभी आदिवासियों को पक्के मकान बनवाकर दिये जायेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गरीबों को मकान के लिए जमीन और बिजली प्राथमिकता के आधार पर दी जाएगी। श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार पंडित दीनदयाल के आदर्शो पर चलकर गरीबों के कल्याण के लिए कार्य कर रही है। प्रदेश में विगत एक अप्रैल से पंजीकृत श्रमिकों को 200 रुपये प्रति माह की दर से घरेलू बिजली दी जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भारत सरकार की आयुष्मान योजना का लाभ मध्यप्रदेश की जनता को भी दिलवाया जाएगा। साथ ही, गरीब बहनों को सम्मानजनक व्यवसाय के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं की विस्तार से जानकारी देते हुए नागरिकों से अपील की कि 7 मई को विशेष ग्राम सभा में अवश्य भाग लें। सभा में असंगठित मजदूरों के पंजीयन की सूची पढ़ी जायेगी। उन्होंने श्रमिकों से आग्रह किया कि अगर सूची में नाम छूट गया हो, तो विशेष ग्राम सभा में ही अपना नाम जुड़वाएँ। सम्मेलन में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने श्रमिकों, तेंदूपत्ता संग्राहकों एवं महुआ फूल बीनने वाले श्रमिकों को चरण पादुका, साड़ी और पानी की बॉटल का वितरण किया। विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को हित-लाभ भी वितरित किये। मुख्यमंत्री ने आदिवासी बोली की नुक्कड़ नाटक पुस्तिका ''पोरियों नी हन्देहो'' का विमोचन किया और नागरिकों को बच्चों को पढ़ाने, जल-संरक्षण, गाँव को सुंदर और स्वच्छ बनाने, घर में शौचालय बनाने, पर्यावरण संरक्षण के लिए पौधे लगाने और वृक्ष बचाने का संकल्प दिलवाया। कार्यक्रम में विधायक श्री कलसिंह भाबर और श्री शांतिलाल बिलवाल तथा राज्य लघु वनोपज संघ के अध्यक्ष श्री महेश कोरी उपस्थित थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 May 2018

पेटलावद बलास्ट मृतकों की संख्या 94 ,घटना की न्यायिक जाँच होगी

मृतकों के परिजन को मिलेंगे 5-5 लाख रुपये झाबुआ के पेटलावद ब्लास्ट में मरने वालों की संख्या 94 पहुँच गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने झाबुआ जिले के पेटलावद पहुँचकर घटना का जायजा लिया। वे शनिवार को यहाँ हुए एक भीषण हादसे के घायल तथा मृतकों के परिजनों से मिले। उन्होंने कहा कि पेटलावद में हुए भीषण हादसे की न्यायिक जाँच करवायी जायेगी। मृतकों के परिजनों को पाँच-पाँच लाख रुपये दिये जायेंगे। प्रत्येक मृतक के परिवार के एक सदस्य को पात्रता अनुसार रोजगार/स्व-रोजगार मुहैया करवाया जायेगा। किसी भी हाल में अपराधी को छोड़ा नहीं जायेगा। अपराधी की सूचना देने वाले को एक लाख रुपये का इनाम दिया जायेगा।मुख्यमंत्री श्री चौहान पेटलावद में मृतकों के परिजन और घायलों से मुलाकात के दौरान बहुत द्रवित दिखे। उन्होंने न केवल सबको ढाँढस बँधाया बल्कि हरसंभव मदद की बात भी कही। अनेक जगह उन्होंने जमीन पर बैठकर लोगों की बात को गंभीरता से सुना।एसडीएम और एसडीओपी हटायामुख्यमंत्री श्री चौहान ने पेटलावद के एस.डी.एम. और एस.डी.ओ.पी. को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिये। उन्होंने पेटलावद थाना के पूरे अमले को भी तत्काल प्रभाव से बदलने के निर्देश दिये।40 परिवारों से मिलकर की संवेदना व्यक्तमुख्यमंत्री ने अपने पेटलावद प्रवास के दौरान 40 परिवारों से मिलकर संवेदना प्रकट की। उन्होंने सभी को ढाँढस बताया और जाँच में कोई कोताही न बरतने की बात की।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोमवार की सुबह पुन: पेटलावद जायेंगे। मुख्यमंत्री सोमवार को मृतकों और घायलों से संबंधित 17 गाँव में जाकर परिजनों से भेंटकर उन्हें दिलासा देंगे।मुख्यमंत्री चौहान सबसे पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पेटलावद पहुँचकर घायलों से मिले। उन्होंने घायलों के स्वास्थ्य की जानकारी ली तथा उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की। उन्होंने चिकित्सकों को निर्देश दिये कि घायलों के मध्यप्रदेश और मध्यप्रदेश के बाहर जहाँ भी जरूरी होगा, उपचार में किसी भी तरह की कोई कसर नहीं छोड़े। घायलों को बेहतर से बेहतर चिकित्सा मुहैया करवायी जाये। उन्होंने घायलों के परिजनों को आश्वस्त किया कि घायलों के उपचार में व्यय होने वाली सम्पूर्ण राशि राज्य शासन वहन करेगा। शासन द्वारा हरसंभव आवश्यक मदद दी जायेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान हादसे में मृत लोगों के परिजन से भी मिले और उन्हें सांत्वना दी। उन्होंने राज्य शासन की ओर से उन्हें सहायता देने की बात कही।मुख्यमंत्री घटना स्थल के आसपास एकत्र स्थानीय नागरिकों से भी मिले। उन्होंने सभी की बात को गंभीरता से सुना तथा नागरिकों द्वारा दिये गये सुझावों पर अमल करने का भरोसा दिलाया। श्री चौहान ने घटना स्थल का मुआयना करने के बाद पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये।मुख्यमंत्री श्री चौहान स्थानीय मुक्तिधाम भी गये जहाँ मृतकों का अंतिम संस्कार किया गया था। वहाँ मुख्यमंत्री ने मृतकों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

Video
Advertisement
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.