Since: 23-09-2009

  Latest News :
बाबा साहब के सपनों को साकार करने वाली सरकार चुनें : मायावती.   भाजपा का संकल्प पत्र देशवासियों की एंबीशन पूरा करने का मिशन- प्रधानमंत्री.   फिल्म अभिनेता सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग.   इजरायल-ईरान संघर्ष के हालात पर भारत की दोनों पक्षों से संयम बरतने की अपील.   प्रधानमंत्री मोदी की गेमिंग क्षमता से प्रभावित हुए युवा गेमर्स ने उन्हें ‘नमो ओपी’ दिया नाम.   अगर नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं होते तो राम मंदिर का निर्माण नहीं हो पाता : राज ठाकरे.   प्रदेश में सबसे ज्यादा अपराध आदिवासी वर्ग पर हो रहे हैं: जीतू पटवारी.   44 घंटे तक रेस्क्यू के बाद भी बोरवेल में गिरे मासूम की नहीं बच पाई जान.   भाजपा ने बाबा साहब के योगदान को नई पहचान दीः नरेन्द्र मोदी.   जिन लोगों ने बाबा साहब को संसद जाने से रोका वही उनके नाम पर वोट मांग रहे : मुख्यमंत्री डॉ. यादव.   रीवा में बोरवेल में गिरे मासूम को निकालने के लिए रेस्क्यू जारी.   मां के साथ खेत पर गई दो बहनें तालाब में डूबी.   सड़क दुर्घटना में दो सगे भाइयों समेत तीन युवकों की मौत.   मैनपाट में घर में लगी आग की चपेट में आकर तीन बच्चे जिंदा जले.   बसपा ने छग की तीन सीटों के लिए की उम्मीदवारों की घोषणा.   सरोना ट्रेचिंग ग्राउंड को 5 दिन के भीतर साफ करने का अल्टीमेटम.   कोरबा में स्कूल वैन दुर्घटनाग्रस्त सात घायल.   कांग्रेस उम्मीदवार कवासी लखमा पर तीन थानों में दर्ज हुई एफआईआर.  

विदिशा News


vidisha, speeding truck , one dead

विदिशा। मध्य प्रदेश में रफ्तार का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन होने वाले सड़क हादसों में लोग अपनी जान गंवा रहे है। ताजा मामला विदिश जिले के गंजबसौदा का है। यहां गुरुवार को एक तेज रफ्तार ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गया। हादसे में एक युवक की मौत हो गई, जबकि दो अन्य लोग घायल हुए है। घायलों को ईलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।   जानकारी अनुसार तेज रफ्तार ट्रक विदिशा की तरफ से आ रहा था। इस दौरान जैसे ही चालक ने अम्बा नगर चौराहे पर सिरोंज की तरफ मोड़ा वैसे ही ट्रक पलट गया। इस दौरान वहां सड़क किनारे खड़ा 31 वर्षीय धर्मेंद्र चिडार की ट्रक के नीचे दबकर मौत हो गई है। जबकि60 बर्षीय गणेशराम अहिरवार और एक अन्य घायल हो गए। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। ट्रैक्टर व अन्य साधनों की सहायता से ट्रक को हटाया गया। तब ट्रक के नीचे दबे दो लोगों को बाहर निकालकर एंबुलेंस के माध्यम से शासकीय अस्पताल भेजा गया। डॉक्टरों ने धर्मेंद्र को मृत घोषित कर दिया, वहीं बुजुर्ग गणेशराम और एक अन्य को प्राथमिक उपचार के बाद जिला चिकित्सालय रेफर किया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 February 2024

bhopal, Prosperous and developed ,Shivraj

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान रविवार को विदिशा जिले के ग्राम वन जागीर में आयोजित विकसित भारत संकल्प यात्रा के कार्यक्रम में शामिल हुए। यहां उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सम्पूर्ण भारत वैभवशाली, गौरवशाली, सम्पन्नता, समृद्धि की ओर अग्रसर हो रहा है। उन्होंने मतदाताओं के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जो विश्वास मतदाताओं ने मत देकर प्रदर्शित किया है, उसे हम जनकल्याण की अनेक योजनाओं से फलीभूत करेंगे।   पूर्व मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि विकसित भारत संकल्प यात्रा का मुख्य उद्देश्य छूटे हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ दिलाना है वहीं पूर्व से लाभान्वित हुए हितग्राहियों के जीवन में क्या परिवर्तन आया है कि जानकारी स्वयं हितग्राही दें ताकि गांव के लोग इन महत्व के अंतरों को जान सकें।   उन्होंने प्रदेश में मुख्यमंत्री लाड़ली लक्ष्मी योजना से लेकर मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना के संचालन के उद्देश्यों को रेखांकित करते हुए कहा कि प्रदेश की हर बहना प्रगति के सौपानों को पार करे। प्राकृतिक धरातल के हरेक क्षेत्र पर महिलाओं का भी हक है और वे इस हक से वंचित न रहें। उनकी जिंदगी में आ रहे बदलाव से में अति प्रसन्न हो रहा हूं। उन्होंने नवनिर्वाचित स्थानीय विधायक मुकेश टंडन का जिक्र करते हुए कहा कि जिले के हरेक विधायक विधानसभा के हरेक गांव के लिए पृथक-पृथक कार्य योजना तैयार करें ताकि विकास की धुरी गांव से शुरू हो। कार्यक्रम को विदिशा सांसद रमाकांत भार्गव ने भी संबोधित किया।   इसके पहले पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान सहित अन्य अतिथियों के द्वारा मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित व कन्या पूजन कर ग्राम वन में विकसित भारत संकल्प यात्रा कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया।   पूर्व मुख्यमंत्री चौहान ने कार्यक्रम स्थल पर उपस्थित जनप्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों और हितग्राहियों को विकसित भारत संकल्प यात्रा की निर्धारित शपथ का वाचन किया, जिसे सभी ने दोहराया।   विकसित भारत संकल्प यात्रा तहत जिलेभर में आई.ई.सी वैन (प्रचार रथ) भ्रमण कर रहा है जिसके माध्यम से शासन की योजनाओं का प्रचार प्रसार तथा विकसित भारत संकल्प वीडियो का प्रसारण किया जा रहा है। इसी के तहत ग्राम वन जागीर में भी आई.ई.सी वैन (प्रचार रथ) पहुंचा जिस पर लगाई गई एलईडी और साउंड के माध्यम से प्रधानमंत्री जी का संदेश एवं विकसित भारत संकल्प वीडियो का प्रसारण किया गया जिसे ग्रामीण जनों के द्वारा देखा व सुना गया।   कार्यक्रम स्थल पर विदिशा विधायक मुकेश टंडन, शमशाबाद विधायक सूर्यप्रकाश मीणा, कुरवाई विधायक हरिसिंह सप्रे के अलावा अन्य जनप्रतिनिधि गण एवं पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार शुक्ला, अपर कलेक्टर अनिल कुमार डामोर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक समीर यादव समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी, गणमान्य नागरिक, लाभान्वित होने वाले हितग्राही मौजूद रहे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 December 2023

vidisha, Rear wheel , Gulabganj

विदिशा। विदिशा के गुलाबगंज में गुरुवार सुबह मालगाड़ी के पीछे का पहिया पटरी से नीचे उतर गया। पहिया उतरने से जान माल का कोई नुकसान नहीं हुआ है। सूचना मिलते ही रेलवे कर्मचारी मौके पर पहुंची।   गुलाबगंज में गुरुवार सुबह मालगाड़ी का पहिया ट्रेक से उतरने के बाद तुरंत मौके पर जिले के अधिकारी कर्मचारी पहुंच गए। मालगाड़ी को रोककर साइड ट्रैक पर खड़ा किया गया। गनीमत रही कि कोई बड़ी घटना नहीं हुई।फिलहाल इस रूट पर किसी भी ट्रेन के कैंसल होने या डीले होने की खबर नहीं है। हादसा किस वजह से हुआ इसकी जांच रेलवे के अफसर कर रहे हैं। पटरी से पहिया नीचे उतरने के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 November 2023

vidisha, Amit Shah , Congress

विदिशा। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस वाले मध्य प्रदेश का भला नहीं कर सकते। कांग्रेस अभी-अभी पांच नई गारंटी लाई है। उन्होंने कहा कि जिनकी खुद की कोई गारंटी नहीं है वो क्या गारंटी देंगे। कमलनाथ से पूछने आया हूं कि 10 साल तक केंद्र में यूपीए की सरकार चली, आप बताइए कि मध्य प्रदेश को कितना रुपया दिया गया?     केन्द्रीय गृह मंत्री शाह सोमवार को मप्र विधानसभा चुनाव के मद्देनजर विदिशा जिले के सिरोंज में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार में मध्य प्रदेश में विकास नहीं हुआ। भाजपा सरकार बीमारू राज्य मध्य प्रदेश को विकास की दिशा में ले गई। एक बार फिर आप सभी डबल इंजन की सरकार चुनें और प्रदेश का विकास करें। अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर भरोसा करिए, हम बेमिसाल मध्य प्रदेश को 'बेस्ट' प्रदेश बनाएंगे। जो लोग अपने बेटा-बेटी के लिए राजनीति में आए हैं, वो क्या देश का भला करेंगे। एक ओर से परिवारवाद को बढ़ावा देने वाली कांग्रेस पार्टी है, तो दूसरी ओर प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश को सुरक्षित करने वाली भाजपा है। मोदी ने नौ साल में जो कहा, वो करके दिखाया है। उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा ने 18 साल के शासन में बीमारू राज्य को विकसित प्रदेश बनाया। अब पांच साल और मिलने पर भाजपा इस प्रदेश को देश के अग्रणी राज्यों की श्रेणी में ला देगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 November 2023

Vidisha, Attempt to rob bank,  broad daylight

विदिशा। जिले के गंजबासौदा नगर में मंगलवार को भारतीय स्टेट बैंक आफ इंडिया (एसबीआई) की शाखा के सामने हथियारबंद बदमाशों ने दिनदहाड़े बैंक कर्मचारियों से लूट का प्रयास किया। बताया जा रहा है कि दो बैंक कर्मी भारी मात्रा में नगदी लेकर बैंक जा रहे थे। इसी दौरान एसबीआई के सामने दो बदमाशों ने हवाई फायर करते हुए उनसे पैसों से भरा बैग छीनने की कोशिश की। लेकिन असफल होने के बाद बदमाश मोटरसाइकिल में बैठकर फरार हो गए। घटना का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है, जिसके आधार पर पुलिस बदमाशों की तलाश में जुटी है।       जानकारी के अनुसार, मंगलवार को बैंक ऑफ बड़ौदा के दो कर्मचारी 35 लाख रुपये कैश लेकर बैंक जा रहे थे। तभी मोटरसाइकिल सवार तीन युवक ने उनका रास्ता रोक लिया। एक आरोपित ने मोटरसाइकिल चालू रखी थी जिससे लूट के बाद फौरन भागने में आसानी हो सके। वहीं दो आरोपितों ने कर्मचारियों से रुपयों से भरा बैग छीनने का प्रयास किया। लेकिन कर्मचारी बैग को बचाते रहे। छीनाझपटी के बीच खुद को असफल होता देख आरोपितों ने फायरिंग शुरु कर दी। हालांकि कर्मचारी साहस दिखाते हुए पैसे बचाने में सफल रहे। घटना के बाद लुटेरे हवाई फायर करते हुए मोटरसाइकिल पर बैठकर भाग निकले।       बैंक कर्मियों ने फौरन इस मामले की शिकायत जिसके बाद पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है। सीसीटीवी फुटेज भी खंगाली जा रही है। घटना के बाद क्षेत्र में हड़कंप का माहौल है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 October 2023

vidisha, Car fell , pit filled

विदिशा। खेत से लौट रहे एक परिवार की कार बीती रात सड़क किनारे बने करीब 15 फीट गहरे पानी से भरे गड्ढे में जा गिरी। इस हादसे में 3 बच्चों और एक महिला की मौत हो गई। जबकि दो लोग घायल हो गए। कार में एक ही परिवार के 6 लोग सवार थे। देर रात तक चले रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान चारों शव और कार को गड्ढे से बाहर निकाल लिया गया है।   प्राप्त जानकारी के अनुसार विदिशा के हैदरगढ़ में रहने वाले शहजाद खान अपनी पत्नी और बच्चों के साथ अमरपुर में खेत पर गए थे। शाम को वहां से लौटते वक्त उनकी कार अनियंत्रित होकर सड़क किनारे बने गड्ढे में जा गिरी। कार में शहजाद खान के परिवार के अलावा उनका ड्राइवर सहित कुल 6 लोग सवार थे। घटना की जानकारी लगते ही वहां ग्रामीण एकत्र हो गए और दो लोगों को बाहर निकाला। सूचना मिलने पर पुलिस और गोताखोरों की टीम भी मौके पर पहुंच गई। बाद में महिला और दो बच्चों के शव को बाहर निकाला गया। काफी देर बार रात करीब साढ़े 11 बजे एक और बच्चे का शव निकाला गया।   ग्यारसपुर तहसील के हैदरगढ़ थाना क्षेत्र में अमरपुर से चक तक सड़क निर्माण किया जा रहा है। इसके लिए रोड किनारे से मुरम खोदी जा रही है। जिससे वहां खंती (डबरी) बन गई। बरसात होने के कारण इसमें लगभग 15 फीट तक पानी भर गया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 September 2023

vidisha, Two youths died , Betwa river

विदिशा। विदिशा में बेतवा नदी में डूबने से दो लोगों की मौत हो गई। दोनों युवक अपने दो अन्य दोस्तों के साथ बुधवार शाम को मछली पकड़ने गए थे। इस दौरान डूबने से दोनों की मौत हो गई। जिसके बाद गुरुवार सुबह पुलिस और प्रशासन ने सर्चिंग अभियान चलाकर दोनों के शवों को बाहर निकाला गया। दोनों शवों को कोतवाली पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया है। कोतवाली पुलिस शवों का पोस्टमार्टम करा रही है।   जानकारी अनुसार ढलकपुरा निवासी शरीफ खान (45 वर्ष) और राकेश मालवीय (35 वर्ष) बुधवार शाम करीब चार बजे अपने दो अन्य दोस्तों के साथ बेतवा नदी पर स्थित कालिदास डैम पर मछली पकड़ने गए थे। एसडीआरएफ प्रभारी एवं होमगार्ड में प्लाटून कमांडर रश्मि दुबे ने बताया कि मछली पकड़ने के दौरान दोनों युवक डूब गए। इससे घबराए उसके साथी वहां से फरार हो गए। देर रात तक जब दोनों अपने घर नहीं लौटे तो परिजनों ने पुलिस थाने में सूचना दी। इस बीच रात को 11 बजे किसी अन्य व्यक्ति ने युवकों के डूबने की सूचना दी। जिसके बाद गुरुवार की सुबह छह बजे से एसडीआरएफ और होमगार्ड द्वारा संयुक्त सर्चिंग अभियान शुरू किया गया। इस दौरान सुबह 7.45 बजे शरीफ खान और 9 बजे राकेश मालवीय का शव निकाला गया। दोनों शवों को कोतवाली पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया है। कोतवाली पुलिस शवों का पोस्टमार्टम करा रही है। गुरुवार सुबह जैसे ही दोनों युवकों के शव बाहर निकाले गए, स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 August 2023

vidisha, Lokayukta raids , crore revealed

विदिशा। लोकायुक्त पुलिस की टीम ने मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग के रिटायर्ड स्टोर कीपर के ठिकानों पर छापामार कार्रवाई की। कार्रवाई के दौरान उसकी संपत्ति देख लोकायुक्त की टीम भी हैरान रह गई। दिन भर चली छापामार कार्रवाई में उसकी करीब 10 करोड़ की संपत्ति का खुलासा हुआ है। लोकायुक्त की टीम ने उसके भोपाल और विदिशा के लटेरी स्थित ठिकानों से 45 लाख रुपये कीमत का सोना, गहने और 21 लाख रुपये कैश भी बरामद किए हैं।     अशफाक अली राजगढ़ जिले में स्वास्थ्य विभाग में स्टोर कीपर के पद पर पदस्थ था। वह 2021 में सेवानिवृत्त हो गया था। लोकायुक्त में उसके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की शिकायत की गई थी। इसी सिलसिले में मंगलवार को अशफाक के भोपाल में दो मकान और लटेरी के ठिकानों पर एक साथ छापे मारे गए।     लोकायुक्त डीएसपी वीरेंद्र सिंह ने बताया कि रिटायर्ड स्टोर कीपर अशफाक अली के भोपाल में ग्रीन वैली स्थित मकान से नोटों से भरा बैग मिला। नोट गिनने के लिए मशीन मंगानी पड़ी। इस मकान का इंटीरियर फाइव स्टार होटल जैसा है। इसकी कीमत दो करोड़ रुपये आंकी गई है। रिटायर्ड स्टोर कीपर अशफाक अली के घर पर 45 लाख का गोल्ड और गहने मिले हैं।     अशफाक अली के परिवार के सदस्यों के नाम पर 16 से अधिक अचल संपत्तियों की जानकारी सामने आई है। अशफाक अली, उसके बेटे जीशान अली, शारिक अली, बेटी हिना कौसर और पत्नी राशिदा बी के नाम पर करोड़ों रुपए की अचल संपत्तियां खरीदने के कागजात मिले हैं। लोकायुक्त की टीम इन दस्तावेजों को बारीकी से खंगाल रही है।     अभी तक की कार्रवाई में विदिशा के लटेरी में अशफाक और उसके परिजन के नाम चार इमारतें होने की जानकारी मिली है। इनमें आनंदपुर रोड पर 14000 स्क्वायर फीट में निर्माणाधीन शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और लगभग एक एकड़ जमीन पर करीब 2500 वर्ग फीट का आलीशान मकान समेत मुस्ताक मंजिल नाम से तीन मंजिला भवन शामिल है। मुस्ताक मंजिल में प्राइवेट स्कूल किराए से चल रहा है।     डीएसपी वीरेंद्र सिंह ने बताया कि रिटायर्ड स्टोर कीपर अशफाक खान भोपाल में रहता है। उसकी लटेरी में भी इमारतें हैं। छापामार कार्रवाई के दौरान काफी संपत्ति के दस्तावेज मिले हैं। प्रारंभिक आकलन के मुताबिक भोपाल और लटेरी में कुल 10 करोड़ की संपत्ति होने की जानकारी है। फिलहाल, इसकी जांच की जा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 August 2023

विकसित राष्ट्र की ओर कदम बढ़ा रहा है भारत -प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि आजादी के अमृत काल के प्रारंभ में ही भारत विकसित राष्ट्र होने की दिशा में नई ऊर्जा, नई प्रेरणा और नये संकल्प के साथ तेजी से कदम बढ़ा रहा है। भारतीय रेलवे के इतिहास में आज एक नये अध्याय की शुरूआत हो रही है, जब 25 हजार करोड़ रूपये की लागत से भारत के 508 रेलवे स्टेशनों का आधुनिकता के साथ विकास और पुनर्निमाण कार्य प्रारंभ हो रहा है। "अमृत भारत रेलवे स्टेशन योजना" में देश के 1300 स्टेशनों का विकास किया जाएगा। इस उपलब्धि के लिये मैं रेलवे मंत्रालय की सराहना करता हूँ और सभी देशवासियों को बधाई देता हूँ। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी आज अमृत भारत रेलवे स्टेशन योजना के अंतर्गत मध्यप्रदेश के विदिशा सहित देश के 508 रेलवे स्टेशनों के पुनर्निमाण कार्य के शिलान्यास कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधन दे रहे थे। मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान विदिशा स्टेशन पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए।प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस योजना में भारत के सभी राज्य लाभान्वित होंगे। मध्यप्रदेश में 1000 करोड़ रूपये की लागत से 34 रेलवे स्टेशनों का विकास और पुनर्निमाण किया जाएगा। उत्तर प्रदेश में 4500 करोड़ रूपये की लागत से 55 रेलवे स्टेशनों का और महाराष्ट्र में 1500 करोड़ रूपये की लागत से 44 रेलवे स्टेशनों का विकास होगा। राजस्थान में 55 रेलवे स्टेशनों काविकास होगा। तमिलनाडु, कर्नाटक, केरल और उत्तर पूर्व के राज्यों को भी इस योजना का लाभ मिलेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि गत 9 वर्षों में भारतीय रेलवे के नेटवर्क में अभूतपूर्व विस्तार हुआ है। इस दौरान भारत में साउथ अफ्रीका, यूक्रेन, पॉलेंड, यूके, स्वीडन में जितना रेलवे नेटवर्क है, उससे अधिक नेटवर्क बिछाया गया। भारत में आधुनिक ट्रेन संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। आज भारतीय रेल विकास का प्रतीक बन गई है। भारत ने विश्व की चुनौतियों का स्थाई हल निकाला है। दुनिया भर में भारत की साख बढ़ी है। दुनिया का भारत के प्रति रवैया बदला है। प्रधानमंत्री  मोदी ने कहा कि रेल में हर नागरिक के लिये सुलभ और सुखद यात्रा के साथ ही उसे रेलवे स्टेशन पर अच्छा अनुभव मिले, इसके लिये सभी प्रयास किये जा रहे हैं। हर रेलवे स्टेशन पर अच्छी बैठक व्यवस्था, वेटिंग रूम, मुफ्त वाईफाई आदि सुविधाएँ दिलाई जा रही हैं। भारतीय रेल, भारत की लाइफलाइन के साथ ही अब हमारे शहरों की पहचान भी बन रही है। रेलवे स्टेशन अब 'हार्ट ऑफ दि सिटी' बन रहे हैं। रेलवे स्टेशनों के आधुनिकीकरण से विकास को लेकर नया माहौल बनेगा, पर्यटन बढ़ेगा और आर्थिक गतिविधियाँ तेज होंगी। प्रधानमंत्री  मोदी ने कहा कि 'वन स्टेशन वन प्रोडक्ट' योजना से हमारे रेलवे स्टेशन अब शहर और राज्यों की पहचान बन रहे हैं। स्टेशनों पर स्थानीय विरासत और संस्कृति की झलक देखने को मिलती है। यह आधुनिक आकांक्षाओं को पूरा करने के साथ ही ऐतिहासिक विरासत के प्रतीक भी बन रहे हैं। प्रधानमंत्री  मोदी ने कहा कि भारतीय रेल में विकास को रफ्तार देने की अपार संभावनाएँ हैं। यह विकास को नये अवसर दे रही है और युवा विकास को नये पंख लगा रहे हैं। गत दिनों डेढ़ लाख युवकों को रेलवे ने पक्की नौकरी दी। भारतीय रेल का आज ढाई लाख करोड़ से अधिक का बजट हो गया है, जो वर्ष 2014 की तुलना में 5 गुना अधिक है। लोकोमोटिव के उत्पादन में 9 गुना वृद्धि हुई है और 13 गुना अधिक एचसीपी कोच बन रहे हैं। नॉर्थ-ईस्ट में रेलवे का विस्तार हो रहा है और शीघ्र की वहाँ की सारी राजधानियाँ इससे जुड़ जाएगी। माल-गाड़ियों के लिये 'डेडिकेटेड कॉरिडोर' बना है। माल वाहन में कम समय लगने से किसानों को सर्वाधिक फायदा हो रहा है। तेज यातायात से विश्व बाजार में हमारे उत्पाद तेजी से बिक रहे हैं। वर्ष 2014 से पहले भोपाल में रेलवे ब्रिज 6000 से भी कम थे, आज 10000 से ज्यादा हैं। प्रधानमंत्री  मोदी ने कहा कि वर्ष 2030 तक भारतीय रेल 'नैट जीरो एमिशन' पर चलेगी। जल्द ही शत-प्रतिशत रेलवे लाइन्स का विद्युतीकरण हो जाएगा। भारतीय रेल आधुनिकता के साथ पर्यावरण फ्रेंडली भी है। बीते 9 वर्षों में भारत के 1200 से अधिक रेलवे स्टेशनों पर सोलर पैनल से बिजली व्यवस्था हुई है, 70 हजार एलईडी लाइट्स लगी हैं और बायो टॉइलेट्स में 28 गुना वृद्धि हुई है। प्रधानमंत्री  मोदी ने कहा कि अगस्त कई दृष्टियों से विशेष माह है। यह क्रांति, कृतज्ञता और कर्तव्य का महीना है। 7 अगस्त स्वदेशी आंदोलन का दिन है, इस दिन हम वोकल फॉर लोकल का संकल्प लें। स्थानीय उत्पादों को महत्व दें। गणेश चर्तुथी पर पर्यावरण फ्रेंडली मूर्तियों की स्थापना करें। 9 अगस्त क्विट इंडिया डे है, इस दिन हम "बुराई, भ्रष्टाचार, परिवारवाद, तुष्टिकरण भारत छोड़ो" यह संकल्प लें। 14 अगस्त विभाजन की विभीषिका का दिन है, इस दिन हम उन परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करें, जिन्होंने कष्ट सहे। 15 अगस्त राष्ट्र के प्रति कृतज्ञता का दिन है, हर घर तिरंगा फहरायें। हर दिन, हर मन, हर मकान, हर सपना, हर संकल्प तिरंगा हो। प्रधानमंत्री  मोदी ने कहा कि भारत के नागरिकों द्वारा चुकाए गए टेक्स की एक-एक पाई राष्ट्र के निर्माण में उपयोग की जा रही है। देश में निरंतर टेक्स पेयर्स की संख्या बढ़ रही है, गत दिनों यह 16 प्रतिशत बढ़ी है। मोदी की गारंटी है कि 7 लाख रूपये की आय तक अब इनकम टेक्स नहीं लिया जाएगा। जनता का विकास के प्रति विश्वास बढ़ रहा है। रेलवे का कायाकल्प, मेट्रो विस्तार, एक्सप्रेस-वे, एयरपोर्टस, अस्पताल, स्कूल आदि विकास के कार्य तेजी से हो रहे हैं। यह सब बच्चों के अच्छे भविष्य की गारंटी है। नये भारत का निर्माण हो रहा है। हम सब यह संकल्प लें कि अपने नागरिक के दायित्व का भी पालन करेंगे। मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश और प्रदेश में विश्वस्तरीय अधोसंरचना विकसित करने के लिए धन्यवाद देते हुए कहा है कि केंद्र और मध्यप्रदेश की डबल इंजन सरकार मध्यप्रदेश में विकास और समाज के सभी वर्गो के कल्याण के कार्यों से प्रदेश को विकसित बनाएगी। आज देश और प्रदेश प्रधानमंत्री  मोदी के नेतृत्व में गौरवशाली,प्रगतिशाली, समृद्धशाली और आत्मनिर्भर बन रहा है। प्रधानमंत्री  मोदी विश्व स्तर के अनेक कार्यक्रमों का नेतृत्व कर रहे हैं और दुनिया  मोदी और भारत का लोहा मान रहे हैं। प्रधानमंत्री द्वारा आज प्रदेश के 34 स्टेशनों के कायाकल्प का शिलान्यास प्रदेश को समृद्ध और अधोसंरचनात्मक नया स्वरूप देगा। विदिशा के स्टेशन का 28 करोड़ रूपये से कायाकल्प होगा। मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि सरकार और सरकार में फर्क होता है। वर्ष 2014 में जहा मध्यप्रदेश के लिए रेल का बजट मात्र 632 करोड़ होता था, उसे प्रधानमंत्री  मोदी के नेतृत्व में लगभग 21 गुना यानी 13 हजार 607 करोड़ रूपए किया गया है। डबल इंजन की सरकार में प्रदेश का सड़क, हवाई और रेल यातायात बेहतर हुआ है। विदिशा में शिक्षा, स्वास्थ्य, सिंचाई, अधोसंरचना के ऐतिहासिक कार्य हुए है। मुख्यमंत्री ने आमजनों को आश्वस्त किया कि उनकी सरकार प्रदेश के विकास, निर्माण और समाज कल्याण के कार्यों से प्रदेश को विकसित बनाएगी। उन्होंने विकसित मध्यप्रदेश के लिए आमजनों से सहभागिता की अपील की। रेल मंत्री  अश्विनी वैष्णव ने वी.सी. के माध्यम से कहा कि प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश ने जल, वायु, सड़क और रेल के अधोसंरचना विकास में शानदार काम किया है। आज रेलवे का बजट लगभग ढाई लाख करोड़ रूपए हो गया है। अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत देश के 1300 स्टेशनों का कायाकल्प होना है और वर्तमान में 25000 करोड़ रुपए की राशि से देश के 508 रेलवे स्टेशन पर आधुनिक यात्री सुविधाओं के विकास के लिए निर्माण कार्य किए जाएंगे। उन्होंने आज के दिन को ऐतिहासिक दिन बताते हुए प्रधानमंत्री  मोदी के नेतृत्व का आभार माना और देशवासियों को शुभकामनाएँ दीं। कार्यक्रम को सांसद  रमाकांत भार्गव ने भी संबोधित किया। रेलवे बोर्ड के अपर महा प्रबंधक  रविशंकर सक्सेना ने स्वागत भाषण दिया। लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, पूर्व वित्त मंत्री राघव, विधायक  हरिसिंह सप्रे, अपर महाप्रबंधक रेलवे रविशंकर सक्सेना, डी.आर.एम. देवाशीष त्रिपाठी, जन-प्रतिनिधि और आमजन उपस्थित थे।        

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 August 2023

vidisha,old boy died,open borewell

भोपाल। मध्य प्रदेश के विदिशा में मंगलवार को बोरवेल के खुले गड्ढे में गिरी एक ढाई साल की बच्ची को बचाया नहीं जा सका। करीब आठ घंटे चले रेस्क्यू के बाद उसे बाहर निकाला गया और उसे तत्काल एंबुलेंस से सिरोंज के अस्पताल भेजा गया, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बच्ची के निधन पर दुख व्यक्त किया है।     एसडीएम हर्षल चौधरी ने बताया कि घटना जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर सिरोंज-कुरवाई रोड पर ग्राम कजरी बरखेड़ा की है। यहां स्थानीय निवासी इंदर सिंह (पप्पू) की ढाई साल के बेटी अस्मिता मंगलवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे खेलते समय घर के आंगन में खुले पड़े बोरवेल के गड्ढे में गिर गई थी। वह बोरवेल की करीब 13 फीट की गहराई पर जाकर फंसी हुई थी। सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशानिक अमला मौके पर पर पहुंच गया और राहत एवं बचाव कार्य शुरू किया। इसके बाद एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंच गई। जेसीबी और पोकलेन की मदद से बोरवेल के समानांतर गड्डा खोदा गया। फिर सुरंग बनाकर बच्ची तक पहुंचा गया। इस दौरान डॉक्टर को बोरवेल के समानांतर खोदे गए गड्ढे में भेजा गया। डॉक्टर ने वहीं पर बच्ची की प्राथमिक जांच भी की।     उन्होंने बताया कि करीब आठ घंटे से ज्यादा समय तक चले रेस्क्यू के बाद बच्ची को गड्ढे से बाहर निकाला और तत्काल उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बच्ची की जांच करने वाले डॉक्टर सुरेश अग्रवाल ने बताया कि बच्ची की मौत अस्पताल लाने के तीन-चार घंटे पहले ही हो चुकी थी। जब बच्ची को बाहर निकाला तो उसके हाथ पैर में अकड़न आ चुकी थी। सामान्य तौर पर किसी की मौत के बाद ऐसा 10-12 घंटे में होता है, लेकिन गीली मिट्टी की वजह से बच्ची की मौत के बाद उसकी बॉडी में अकड़न आ गई। इससे ऐसा माना जा रहा है कि बच्ची की मौत बोरवेल के अंदर ही हो चुकी थी।     विदिशा के पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार शुक्ला ने बताया कि सिरोंज तहसील की पथरिया थाना क्षेत्र के ग्राम कजरी बरखेड़ा में घर के आंगन में बनाए जा रहे बोरवेल में गिरी ढाई वर्षीय बच्ची को सात घंटे तक चले रेस्क्यू ऑपरेशन के उपरांत बाहर निकाला गया। हमारी पहली प्राथमिकता बच्ची को रेस्क्यू कर बाहर निकालना था। बच्ची को वेंटिलेटर पर अस्पताल ले जाया गया, उपचार के बाद डॉक्टरों ने बच्ची को मृत घोषित किया है। उन्होंने बताया कि मामले में जांच की जाएगी। इसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विदिशा जिले में ढाई वर्ष की बच्ची अस्मिता की बोरवेल में गिरने से हुई असामयिक मृत्यु पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और होमगार्ड सहित जिला प्रशासन के अधिकारियों, कर्मचारियों के रेस्क्यू ऑपरेशन में अथक प्रयास के बाद भी दुर्भाग्य से बच्ची की जान नहीं बचाई जा सकी। मुख्यमंत्री ने प्रभावित परिवार की आर्थिक सहायता के निर्देश कलेक्टर विदिशा को दिए हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 July 2023

bhopal, Seven-year-old boy, borewell

भोपाल। मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में लटेरी तहसील के ग्राम खेरखेड़ी में एक खेत में खुले बोरवेल में गिरे सात वर्षीय बच्चे को बचाया नहीं जा सका। पुलिस और एनडीआरएफ की टीम ने करीब 24 घंटे चलाए गए रेस्क्यू आपरेशन के बाद बुधवार दोपहर करीब 12 बजे उसे बाहर निकाला। रेस्क्यू टीम बच्चे को लेकर लटेरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची, जहां उसे आईसीयू में ले जाया गया। यहां डॉक्टरों की टीम ने उसे मृत घोषित कर दिया।   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्राम खेरखेड़ी के पीड़ित परिवार को चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने कहा कि बोरवेल खुला छोड़ने वाले खेत मालिक पर एफआईआर दर्ज की जाएगी। जिले में एक सप्ताह के भीतर खुले बोरवेल को बंद कराया जाएगा।     गौरतलब है कि एक दिन पहले मंगलवार की सुबह करीब 11 बजे गांव खेरखेड़ी में खेत में चने की फसल काट रहे मजदूर दिनेश अहिरवार का सात वर्षीय बेटा लोकेश अहिरवार पड़ोस के खेत में खुले पड़े 60 फीट गहरे बोरवेल के गड्ढे में गिर गया था। जिसे बचाने के लिए दोपहर 12.00 बजे से रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया। यहां पहले छह बुलडोजर और तीन पोकलेन मशीन से खुदाई की जा रही थी। रात के समय दो पोकलेन अतिरिक्त बुलवाई गई। बोरवेल में फंसे बच्चे पर नाइट वाचिंग कैमरे की मदद से नजर रखी जा रही थी। लगातार आक्सीजन भी पहुंचाई जा रही थी।   करीब 24 घंटे चले रेस्क्यू अभियान के बावजूद उसे बचाया नहीं जा सका। उसे बचाने के लिए पूरी रात एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें जुटी रहीं। बालक 60 फीट गहरे बोरवेल में 43 फीट की गहराई में फंसा था। इसके समानांतर गड्ढे की खुदाई की गई। बुधवार सुबह 8 बजे तक 50 फीट गड्ढा खोदा गया, इसके बाद पांच फीट टनल बनाकर बच्चे को निकाला गया। खुदाई के बाद टनल के पास एम्बुलेंस खड़ी कर दी गई थी। चाइल्ड स्पेशलिस्ट और मेडिकल स्टाफ को टनल के पास बुला लिया गया था। सुबह 11.00 बजे तक सुरंग बनाने का काम पूरा हो गया। इसके बाद टीम के कुछ सदस्य सुरंग के अंदर गए और सुबह करीब पौने 12 बजे बच्चे को बाहर लेकर आए। बाहर एंबुलेंस और डाक्टरों की टीम मुस्तैद थी। बच्चे को एंबुलेंस के जरिए लटेरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए रवाना कर दिया गया। लेकिन मासूम की जान नहीं बच सकी। लटेरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डाक्टरों की टीम ने उसे मृत घोषित कर दिया। कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने बच्चे की मौत की पुष्टि की है।   मुख्यमंत्री चौहान ने बुधवार को ट्वीट के माध्यम से कहा है कि अत्यंत दु:खद है कि विदिशा के खेरखेड़ी गांव में बोरवेल में गिरे बेटे लोकेश को अथक प्रयासों के बाद भी नहीं बचाया जा सका। ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति और परिजनों को यह वज्रपात सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना करता हूं। दुःख की इस विकट घड़ी में सरकार शोकाकुल परिवार के साथ खड़ी है। हमने तय किया है कि राज्य सरकार की ओर से पीड़ित परिवार को चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जायेगी।   उन्होंने कहा कि दोषियों पर उचित कार्रवाई भी करेंगे ताकि भविष्य में इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाई जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि कल से रेस्क्यू ऑपरेशन में लगे एनडीआरएफ, एसडीआरएफ एवं स्थानीय प्रशासन के सभी साथियों ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया, इसके लिए आभार।   मौके पर मौजूद अधिकारियों ने बताया कि बोरवेल के समानांतर गड्ढा खुदाई के दौरान चट्टान आ जाने के कारण भी देरी हुई। रेस्क्यू में जुटे जवानों का कहना है कि खुदाई के दौरान बच्चा बोरवेल में नीचे खिसक गया था, इसलिए उन्हें गड्ढे की गहराई बढ़ानी पड़ी।   खुले आसमान के नीचे रात भर जागते रहे सैकड़ों लोग बोरवेल में फंसे बच्चे की कुशलता के लिए घटनास्थल पर सैकड़ों लोग पूरी रात जागते रहे, इनमें बच्चे के माता-पिता के अलावा कलेक्टर उमाशंकर भार्गव, विधायक उमाकांत शर्मा सहित आसपास के गांवों के लोग थे। खेत में रात के समय सोने का कोई इंतजाम नहीं था। ग्रामीण खुले आसमान के नीचे समूह में जमीन पर बैठे रहे। रेस्क्यू के दौरान जरा-सी हलचल पर लोगों की उम्मीदें बढ़ती रही। कलेक्टर भार्गव भी रेस्क्यू टीम से बार-बार अपडेट लेते रहे।   लोकेश के बोरवेल में गिरने के बाद से उसके पिता दिनेश, मां सीमा बाई के अलावा दादा-दादी भी बोरवेल किनारे बैठकर बच्चे की सलामती के लिए भगवान से प्रार्थना करते रहे। मां सीमा का रोते-रोते गला बैठ गया। पिता दिनेश का कहना था कि दो सौ रुपये रोज की मजदूरी के लिए वे खेत में चना काटने आए थे। उन्हें क्या पता था कि उनका बेटा इतनी बड़ी मुसीबत में फंस जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 March 2023

vidisha, Seven year old boy, borewell

विदिशा। मध्य प्रदेश के विदिशा जिले की लटेरी तहसील अंतर्गत ग्राम आनंदपुर के पास स्थित खेरखेड़ी पठार के एक खेत में खुले पड़े बोरवेल में मंगलवार को सात वर्षीय बालक गिर गया। यह बोरवेल करीब 50 फीट गहरा बताया जा रहा है। जानकारी मिलने के बाद प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंचा और बच्चे को बाहर निकालने के लिए राहत एवं बचाव कार्य शुरू किया।     जानकारी के अनुसार, ग्राम आनंदपुर से करीब तीन किमी दूर ग्राम खेरखेडी पठार में चना की फसल काट रहे मजदूर दिनेश अहिरवार का सात वर्षीय पुत्र लोकेश मंगलवार को खेलते समय पड़ोस के खेत में खुले पड़े बोरवेल में गिर गया। बच्चे की चीख सुनकर माता-पिता को उसके बोरवेल में गिरने का पता चला। उन्होंने अन्य मजदूरों के माध्यम से पुलिस को सूचना दी। यह खेत किसान नीरज अहिरवार का बताया गया है। थोड़ी देर बाद ही एसडीएम हर्षल चौधरी सहित अन्य प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंच गया और बचाव कार्य शुरू कर दिया।   एसडीएम हर्षल चौधरी ने बताया कि लटेरी तहसील के खेरखेड़ी पठार गांव में कच्चे बोरवेल में गिरे 7 वर्षीय बालक को सकुशल निकालने के लिए जिला प्रशासन व बचाव दल ने युद्धस्तर पर प्रयास प्रारंभ कर दिए हैं। कलेक्टर उमाशंकर भार्गव सहित अन्य अधिकारी घटनास्थल पर मौजूद हैं। बोरवेल के समानांतर बुलडोजर से खुदाई कराई जा रही है। बोरवेल में बच्चे के लिए आक्सीजन की व्यवस्था भी कराई जा रही है। कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने भोपाल की एनडीआरएफ टीम से संपर्क किया। उक्त दल घटना स्थल के लिए रवाना हो चुका है।     कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने बताया कि आज दिन में ग्यारह-साढ़े ग्यारह बजे लटेरी तहसील के ग्राम खेरखेड़ी गांव के बोरवेल में सात साल के लोकेश पुत्र दिनेश ग्राम बंदीपुर के गिरने की सूचना मिलते ही बचाव हेतु रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हो गया है। घटनास्थल पर बचाव एवं सुरक्षा के दृष्टिकोण से बोरवेल के चारों तरफ प्रबंध किए गए हैं।   प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, मौके पर बचाव कार्य जारी है। सद्गुरु सेवा ट्रस्ट के चिकित्सक सहित अन्य लोग भी मौके पर मौजूद हैं। बोरवेल में कैमरे लगाए जा रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि नीरज अहिरवार के खेत में धनिया की फसल बोई है। इसी बीच बोरवेल खुला पड़ा था। बालक लोकेश खेलते हुए इस खेत में पहुंच गया और गड्ढा दिखाई नहीं देने पर नीचे गिर गया। बोरवेल करीब दो फीट चौड़ा और 50 फीट गहरा बताया जा रहा है। इसे किसान ने पिछले साल खुदवाया था, लेकिन पानी नहीं निकलने के कारण खुला ही छोड़ दिया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 March 2023

vidisha, Two gangmen , railway track died , MEMU train

विदिशा। जिले के गंजबासौदा रेलवे स्टेशन के पास मंगलवार दोपहर बीना से भोपाल जा रही मेमू ट्रेन की चपेट में आने से दो गैंगमैन की दर्दनाक मौत हो गई। दोनों कर्मचारी रेलवे पटरी पर कार्य कर रहे थे, इसी दौरान वह मेमू ट्रेन की चपेट में आ गए। मामले की जानकारी मिलने के बाद मौके पर रेलवे अधिकारी पहुंच गए। दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए राजीव गांधी चिकित्सालय भेजा गया।   रेलवे पुलिस (जीआरपी) द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार गैंगमैन दोजीलाल अहिरवार (45) और मुन्नालाल कुर्मी (59) मंगलवार दोपहर को पटरी पर लगी चाबियों को ठीक कर ग्रीस लगा रहे थे। दूसरी तरफ दोपहर करीब 1.30 बजे गंजबासौदा स्टेशन के प्लेटफार्म तीन पर पहुंची मेमू ट्रेन वहां से भोपाल के लिए रवाना हुई। ट्रेन स्टेशन से थोडी दूर ही चली थी कि रेलवे किमी नंबर 928/29-31 मिडिल लाइन ट्रैक पर बेतोली फाटक के पास बीच के रेलवे ट्रैक पर मेमू ट्रेन आ गई। हॉर्न न सुनाई देने के कारण दोनों गैंगमैन इसकी चपेट में आ गए। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।   हादसे की जानकारी मिलते ही रेलवे के अधिकारी और जीआरपी पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों के शवों को राजीव गांधी जन चिकित्सालय लाया गया। दोनों गैंगमैन बीना के रहने वाले थे, जो वर्तमान में गंज बासौदा में रहकर रेलवे में गैंगमैन के पद पर काम कर रहे थे। फिलहाल रेलवे के किसी भी अधिकारी ने इस विषय में ज्यादा कुछ नहीं कहा है लेकिन उनका कहना है कि सिंगल ट्रैक पर हम वर्क नहीं कराते यह जांच का विषय है, जांच के बाद ही सही बात पता लगने पर कुछ कहा जा सकेगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 January 2023

सीएम ने बाढ़ प्रभावित गांवों के  नुकसान का जायजा लिया

  अपनी जनता को इस संकट से निकाल कर ले जाऊँगा : मुख्यमंत्री    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गणेश जी की स्थापना कर अपनी जनता के बीच आया हूँ। गणेश जी के बाद जनता ही मेरी भगवान है, ग्राम हिनोतिया और गुजरखेड़ा आकर मैं जनता की पूजा कर रहा हूँ। मुख्यमंत्री चौहान बुधवार को विदिशा जिले के बाढ़ प्रभावित ग्राम हिनोतिया और गुजरखेड़ा में ग्रामीणों की व्यथा जानने के बाद उनसे संवाद कर रहे थे। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मेरे ग्रामीण भाई यदि परेशान हैं तो मैं चैन से कैसे बैठ सकता हूँ। केवल हिनोतिया और गुजरखेडा ही नहीं, विदिशा जिले के 1336 गाँव के 27 हजार 639 मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। मैं अपनी जनता को इस संकट से निकाल कर ले जाऊँगा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि उन्होंने मिट्टी के ढेर बन गए मकानों को देखा है, गृहस्थी भी डूब गई और मवेशियों के अलावा फसलें भी बर्बाद हो गई हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि जिनके मकान बाढ़ से टूट गये है, उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना जैसे आवास निर्माण कर दिये जायेंगे। उन्होंने कहा कि फसलों को हुए नुकसान के लिए आरबीसी 6-4 में सहायता के साथ प्रधानमंत्री फसल बीमा की राशि से भी भरपाई की जाएगी। साथ ही गाय, भैस, बकरी आदि मवेशियों के लिए भी मुआवजा दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिनके पास रहने के लिये घर नहीं बचा, उन्हें घर बनने तक अस्थायी आश्रय स्थलों में रखा जाएगा, जिससे वे अपने बच्चों का पालन-पोषण कर सकें। उन्होंने जिला कलेक्टर को तत्काल व्यवस्था बनाने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि बाढ़ से जिंदगी बचाने की चुनौती के बाद अब सभी पीड़ित परिवारों को हर संभव मदद दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिंदगी पटरी पर आ जाये, फिर सड़क और पुल-पुलियों के काम भी किये जायेंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 September 2022

विदिशा में हुआ भीषण सड़क हादसा

  घायलों को इलाज के लिए भर्ती कराया गया    विदिशा में भीषण सड़क हादसा हो गया। के ग्यारसपुर थाना क्षेत्र में बुधवार सुबह एक भीषण सड़क हादसा हो गया। ग्राम पीपलखेड़ी के पास नेशनल हाइवे 146 पर दो अलग-अलग बरात में जा रही कारें आमने-सामने भिड़ गईं। टक्‍कर इतनी जबर्दस्‍त थी कि दोनों ही कारें बुरी तरह क्षतिग्रस्‍त हो गईं। हादसे में चार लागों की मौत हो गई, जबकि 10 घायल हैं। मृतकों में एक बुजुर्ग पति -पत्नी, एक किशोरी और ड्राइवर शामिल हैं। ये चारों इंदौर के पास महू के रहने वाले थे। घायलों में 8 लोगों को ज्‍यादा चोटें आई हैं, जिन्‍हें मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं दो लोगों को मामूली चोट लगी।कुछ लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 June 2022

 Uma Bharti

साल में एक बार  राधा अष्टमी पर खुलता है राधा मंदिर   पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती विदिशा पहुंची  | जहां उन्होंने नंदवाना स्थित राधा रानी के मंदिर में पहुंचकर दर्शन और भजन कीर्तन  किये  | उमा भारती ने कहा की  |  राधा रानी की वजह से ही विदिशा की चारों तरफ पहचान है  |  विदिशा के नंदवाना में राधा रानी का एक मंदिर स्थापित है  | जो साल में सिर्फ राधाष्टमी पर एक बार ही दर्शन के लिए खोला जाता है.| बाकी पूरे साल गुप्त रूप से मंदिर में पूजा-अर्चना होती है |  पूर्व मुख्यमंत्री  उमा भारती ने विदिशा पहुंचकर राधा रानी के दर्शन किये  | इस दौरान उन्होंने कहा की | कोरोना के कारण पिछली बार वे  बरसाना नहीं जा पाई थी | . जब उन्हें विदिशा में राधा रानी के ठीक उसी प्रकार के दिव्य रूप के दर्शन मिलने की उम्मीद दिखी तो वे यहां आई हैं | उन्होंने यह भी कहा कि विदिशा धन-धान्य, धार्मिक आस्था और राजनीतिक रूप में देश में अपनी अलग पहचान रखता है.| संभव है कि राधा रानी के प्रभाव से ही विदिशा की पहचान चारों तरफ फैली  है  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 September 2021

 Dance in school

शिक्षा के मंदिर में आसमाजिक तत्वों ने फैलाई अश्लीलता राष्ट्र गान , मप्र राजकीय गीत का भी नहीं किया सम्मान   विदिशा के एक स्कूल में कुछ असामाजिक तत्वों के बार बालाओं के साथ डांस करने का वीडियो सामने आया है  | बताया जा रहा है की रात में कुछ असामाजिक तत्वों ने इस तरह की की घटना को  अंजाम दिया है  | इसमें स्कूल प्रशासन ने कोई परमिशन नहीं दी थी |  जिन लोगों ने इस तरह की अश्लीलता स्कूल में  फैलाई उनकी भी पहचान नहीं हो पाई है |  शिक्षा के मंदिर में डीजे की धुन पर बार बालाओं और असमाजिक तत्वों के  ठुमके ये बता रहे हैं की  लोगों की मानसिकता किस कदर खराब हो गई है  |  स्कूल परिसर जहाँ राष्ट्र गान और मध्यप्रदेश का राजकीय गान दीवारों पर लिखा हुआ था | उसका भी लिहाज करना इन लोगों ने  उचित नहीं समझा |  ये मामला विदिशा के बरखेड़ा ताल के नवीन स्कूल का  है | ग्रामीणों ने बताया की रात करीब 12 और 1 के बीच कुछ असमाजिक लोग स्कूल परिसर में रुके | और बार बालाओं के साथ फ़िल्मी गानों और डीजे की धुन पर जमकर डांस किया | .इन लोगों को पहले कभी गाँव में नहीं देखा गया था  | आखिरकार स्कूल परिसर में  इस तरह की अश्लीलता फैलाने की अनुमति किसने दी ये बड़ा सवाल  है | इस बारे में जब जांच अधिकारी से बात की गई तो उन्होंने बताया की यह घटना रविवार रात की है |  स्कूल बंद रहता है |  कुछ असमाजिक लोग वहां से जा रहे थे तभी उन्होंने इस तरह की घिनौनी हरकत की  | स्कूल शिक्षक को इसकी जानकारी ग्रामीणों ने दी |  जिसके बाद थाने में इसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 March 2021

 DHAMKI

वसूली टीम के साथ रहते हैं एसएएफ के गार्ड   बिजली बिल की वसूली करने वाले बिजली कर्मचारियों को एसएएफ के जवान उपलब्ध कराए गए हैं |  पूर्व में हुई घटनाओं को लेकर कंपनी ने यह कदम उठाया है | अब बिजली वितरण कंपनी  बंदूक के साये में बिलों की वसूली करवा रही है  |  बिजली के बिल की वसूली के लिए गंजबासौदा क्षेत्र के गांवों में जाने वाले कर्मचारियों से अक्सर अभद्रता, मारपीट की घटनाएं सामने आती हैं  | इसी को देखते हुए बिजली कंपनी ने  वसूली टीम के साथ बंदूकधारी जवान तैनात किए हैं   | ताकि कर्मचारियों के साथ कोई वारदात न हो   |  कंपनी को गंजबासौदा संभाग में करीब 1 अरब 8 करोड़ रुपए के बिल वसूलना है  | बीते एक माह में 1 करोड़ 81 लाख रुपए की वसूली की जा चुकी है |  कंपनी ने 3 टीमें बनाई हैं  जो शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में वसूली कर रही हैं |  ग्रामीण क्षेत्र की टीमों के साथ ये जवान जाते हैं |  बिजली वितरण कंपनी के उप महाप्रबंधक रामपाल सिरसाठे ने कहा गंजबासौदा संभाग में उपभोक्ताओं से 1 अरब 8 करोड़ रुपए वसूलना है  | जिसमें से 1 करोड़ 81 लाख रुपए वसूले जा चुके हैं  |  वसूली के दौरान कई जगह विवाद की स्थिति बनती थी | इस बार सुरक्षा की दृष्टि को लेकर एसएएफ के दो गनमैन मिले हैं  |  जो वसूली टीम के साथ अलग-अलग दिन जाते हैं  |           

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 January 2020

 Jyotiraditya Scindia

व्यापारियों से बतियाये ज्योतिरादित्य सिंधिया   विदिशा में कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया आम लोगों जैसा व्यवहार करने का प्रयास करते नजर आए |  सिंधिया कुछ व्यापारियों से मिले  उनसे बातचीत की और बाजार में कुछ दुकानों में जाकर भी बैठे  |  ग्वालियर रियासत से जुड़े कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया विदिशा के बाजार में आम दिखने का प्रयास करते नजर आये  |  विदिशा में उन्होंने व्यापारियों से चर्चा की और कई सामानों की कीमत जानीं  |  सिंधिया ने पहले के रेट और वर्त्तमान कीमतों पर व्यापारियों से तुलनात्मक चर्चा कर यह जानने की कोशिश की कि महंगाई कितनी बढ़ी है और इससे लोगों को कितनी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है |  सिंधिया एक किराने की दूकान और एक जनरल स्टोर में पहुंचे यहाँ दूकानदार ने सिंधिया को टॉफी खिलाई  |  इसके बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने व्यापारियों की समस्याओं को समझने की कोशिश की | सिंधिया ने कुछ सामानों को नजदीक से देखकर उनकी एमआरपी को भी देखा |  सिंधिया गुना से चुनाव हारने के बाद से अपने बिहेव में फाफी बदलाव लाने का प्रयास कर रहे हैं और ये अब उनकी कार्यप्रणाली में भी नजर आने लगा है  |       

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 January 2020

 ACCIDENT

चार लोगों की मौत दो गंभीर घायल   नेशनल हाइवे 146 पर ग्राम अटारी खेजड़ा के पास  रात में भोपाल  से सागर के रहली जा रही एक कार एक खड़े ट्रक से टकरा गई  |   जिसमें चार लोगों की मौत हो गई  |" वहीं दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए  हैं |  कार की टक्कर के बाद तेज आवाज आई |   वहां रास्ते से गुजर रहे अन्य लोगों ने मुश्किल से कार में फंसे दो घायलों को बाहर निकाला और घटना की सूचना पुलिस और एंबुलेंस को दी  |  विदिशा नेशनल हाइवे 146 पर ग्राम अटारी खेजड़ा के पास | भोपाल  से सागर के रहली जा रही एक कार एक खड़े ट्रक से जा टकरा  |   जिसमें चार लोगों की मौत हो गई  |  वहीं दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए |  सभी मृतक रहली के जैन परिवार के बताए गए हैं  |  जानकारी के अनुसार रहली निवासी अनिल कुमार जैन अपने परिवार के साथ भोपाल में एक गमी के कार्यक्रम से वापस लौट रहे थे  |  इसी दौरान कार एक ट्रक में भिड़ गई  |   जिसमें अनिल के अलावा कुसुम जैन, सुनीता जैन और एक बालक अनुज जैन की मौके पर ही मौत हो गई |   वहीं ज्योति जैन और आस्था जैन गंभीर रूप से घायल हो गए  | उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है | बताया जा रहा हैं की कार की टक्कर के बाद तेज आवाज आई इसके बाद वहां रास्ते से गुजर रहे अन्य लोगों ने मुश्किल से कार में फंसे दो घायलों को बाहर निकाला और घटना की सूचना पुलिस और एंबुलेंस को दी |  सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया  |  बताया जा रहा है कि कार तेज रफ्तार में थी और अचानक सड़क किनारे खड़े ट्रक से टकरा गई और मौके पर ही चार लोगों की जान चली गई  |  रेहली में परिजनों को घटना की सूचना दे दी गई है  | पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है  |   जिसके बाद उन्हें परिजनों को सौप दिए जाएंगे  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 December 2019

vidisha

 किसानों के खातों में पहुँचे 33 हजार करोड़ : गरीबों के 44 करोड़ बिजली बिल हुए माफ  मुख्यमंत्री द्वारा विदिशा जिले में 170 करोड़ के कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण  एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज विदिशा में हुए किसान सम्मेलन में घोषणा की कि आगामी अगस्त माह से विदिशा में मेडिकल कॉलेज शुरू किया जायेगा। इससे विदिशा तथा आसपास की जनता को गंभीर बीमारियों के लिये भी समुचित उपचार आसानी से मिल सकेगा। श्री चौहान ने एक लाख 33 हजार किसानों के बैंक खातों में फसल बीमा योजना की 445 करोड़ की बीमा राशि ऑनलाईन ट्रांसफर की। मुख्यमंत्री ने विदिशा जिले में 170 करोड़ रूपये लागत के निर्माण कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण किया। श्री चौहान ने कहा कि इस वर्ष किसानों से गेहूँ की खरीदी समर्थन मूल्य को जोड़कर 2 हजार रूपये क्विंटल के मान से की जा रही है। इसके अलावा चना, उड़द और मूंग आदि फसलों की खरीदी भी राज्य सरकार कर रही है, ताकि किसान को उसकी कृषि उपज का लाभकारी मूल्य आसानी से मिल सके। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मंशा है कि खेती को हर हाल में लाभकारी व्यवसाय बनाया जाये। उन्होंने बताया कि प्रदेश के किसानों के बैंक खातों में गत एक साल के दौरान 33 हजार करोड़ रुपये से अधिक की राशि विभिन्न योजनाओं में जमा करवाई गई है। श्री चौहान ने बताया कि मध्यप्रदेश का सोयाबीन चीन को निर्यात करने के प्रयास किये जा रहे हैं। इसके लिये उच्च स्तर पर चर्चा चल रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि संबल योजना समाज के हर गरीब व्यक्ति के जीवन को खुशहाल बनाने के लिये क्रियान्वित की जा रही है। योजना में पंजीकृत असंगठित श्रमिकों तथा अन्य पात्र जरूरतमंद के 44 करोड़ से भी अधिक राशि के बकाया बिजली बिल माफ कर दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि योजना में जो असंगठित श्रमिक और अन्य पात्र लोग अभी तक पंजीयन नहीं करा पाये हैं, उनके पंजीयन के लिये व्यवस्था की जा रही है। सम्मेलन में सांसद श्री लक्ष्मीनारायण यादव, लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, उद्यानिकी राज्य मंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा, विधायक श्री कल्याण सिंह ठाकुर और श्री वीर सिंह पंवार, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी, नगर पालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टंडन, को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष श्री श्याम सुंदर शर्मा, अन्य जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में विभिन्न वर्गों के लोग मौजूद थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विदिशा में वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की प्रतिमा का अनावरण किया। स्थानीय दुर्गा नगर चौराहे पर नगर पालिका द्वारा यह प्रतिमा स्थापित की गई है। अनावरण कार्यक्रम में लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह और सांसद श्री लक्ष्मीनारायण यादव भी उपस्थित थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 July 2018

vidisha

 किसानों के खातों में पहुँचे 33 हजार करोड़ : गरीबों के 44 करोड़ बिजली बिल हुए माफ  मुख्यमंत्री द्वारा विदिशा जिले में 170 करोड़ के कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण  एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज विदिशा में हुए किसान सम्मेलन में घोषणा की कि आगामी अगस्त माह से विदिशा में मेडिकल कॉलेज शुरू किया जायेगा। इससे विदिशा तथा आसपास की जनता को गंभीर बीमारियों के लिये भी समुचित उपचार आसानी से मिल सकेगा। श्री चौहान ने एक लाख 33 हजार किसानों के बैंक खातों में फसल बीमा योजना की 445 करोड़ की बीमा राशि ऑनलाईन ट्रांसफर की। मुख्यमंत्री ने विदिशा जिले में 170 करोड़ रूपये लागत के निर्माण कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण किया। श्री चौहान ने कहा कि इस वर्ष किसानों से गेहूँ की खरीदी समर्थन मूल्य को जोड़कर 2 हजार रूपये क्विंटल के मान से की जा रही है। इसके अलावा चना, उड़द और मूंग आदि फसलों की खरीदी भी राज्य सरकार कर रही है, ताकि किसान को उसकी कृषि उपज का लाभकारी मूल्य आसानी से मिल सके। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मंशा है कि खेती को हर हाल में लाभकारी व्यवसाय बनाया जाये। उन्होंने बताया कि प्रदेश के किसानों के बैंक खातों में गत एक साल के दौरान 33 हजार करोड़ रुपये से अधिक की राशि विभिन्न योजनाओं में जमा करवाई गई है। श्री चौहान ने बताया कि मध्यप्रदेश का सोयाबीन चीन को निर्यात करने के प्रयास किये जा रहे हैं। इसके लिये उच्च स्तर पर चर्चा चल रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि संबल योजना समाज के हर गरीब व्यक्ति के जीवन को खुशहाल बनाने के लिये क्रियान्वित की जा रही है। योजना में पंजीकृत असंगठित श्रमिकों तथा अन्य पात्र जरूरतमंद के 44 करोड़ से भी अधिक राशि के बकाया बिजली बिल माफ कर दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि योजना में जो असंगठित श्रमिक और अन्य पात्र लोग अभी तक पंजीयन नहीं करा पाये हैं, उनके पंजीयन के लिये व्यवस्था की जा रही है। सम्मेलन में सांसद श्री लक्ष्मीनारायण यादव, लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, उद्यानिकी राज्य मंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा, विधायक श्री कल्याण सिंह ठाकुर और श्री वीर सिंह पंवार, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी, नगर पालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टंडन, को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष श्री श्याम सुंदर शर्मा, अन्य जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में विभिन्न वर्गों के लोग मौजूद थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विदिशा में वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की प्रतिमा का अनावरण किया। स्थानीय दुर्गा नगर चौराहे पर नगर पालिका द्वारा यह प्रतिमा स्थापित की गई है। अनावरण कार्यक्रम में लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह और सांसद श्री लक्ष्मीनारायण यादव भी उपस्थित थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 July 2018

vidisha

 किसानों के खातों में पहुँचे 33 हजार करोड़ : गरीबों के 44 करोड़ बिजली बिल हुए माफ  मुख्यमंत्री द्वारा विदिशा जिले में 170 करोड़ के कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण  एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज विदिशा में हुए किसान सम्मेलन में घोषणा की कि आगामी अगस्त माह से विदिशा में मेडिकल कॉलेज शुरू किया जायेगा। इससे विदिशा तथा आसपास की जनता को गंभीर बीमारियों के लिये भी समुचित उपचार आसानी से मिल सकेगा। श्री चौहान ने एक लाख 33 हजार किसानों के बैंक खातों में फसल बीमा योजना की 445 करोड़ की बीमा राशि ऑनलाईन ट्रांसफर की। मुख्यमंत्री ने विदिशा जिले में 170 करोड़ रूपये लागत के निर्माण कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण किया। श्री चौहान ने कहा कि इस वर्ष किसानों से गेहूँ की खरीदी समर्थन मूल्य को जोड़कर 2 हजार रूपये क्विंटल के मान से की जा रही है। इसके अलावा चना, उड़द और मूंग आदि फसलों की खरीदी भी राज्य सरकार कर रही है, ताकि किसान को उसकी कृषि उपज का लाभकारी मूल्य आसानी से मिल सके। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मंशा है कि खेती को हर हाल में लाभकारी व्यवसाय बनाया जाये। उन्होंने बताया कि प्रदेश के किसानों के बैंक खातों में गत एक साल के दौरान 33 हजार करोड़ रुपये से अधिक की राशि विभिन्न योजनाओं में जमा करवाई गई है। श्री चौहान ने बताया कि मध्यप्रदेश का सोयाबीन चीन को निर्यात करने के प्रयास किये जा रहे हैं। इसके लिये उच्च स्तर पर चर्चा चल रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि संबल योजना समाज के हर गरीब व्यक्ति के जीवन को खुशहाल बनाने के लिये क्रियान्वित की जा रही है। योजना में पंजीकृत असंगठित श्रमिकों तथा अन्य पात्र जरूरतमंद के 44 करोड़ से भी अधिक राशि के बकाया बिजली बिल माफ कर दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि योजना में जो असंगठित श्रमिक और अन्य पात्र लोग अभी तक पंजीयन नहीं करा पाये हैं, उनके पंजीयन के लिये व्यवस्था की जा रही है। सम्मेलन में सांसद श्री लक्ष्मीनारायण यादव, लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, उद्यानिकी राज्य मंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा, विधायक श्री कल्याण सिंह ठाकुर और श्री वीर सिंह पंवार, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी, नगर पालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टंडन, को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष श्री श्याम सुंदर शर्मा, अन्य जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में विभिन्न वर्गों के लोग मौजूद थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विदिशा में वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की प्रतिमा का अनावरण किया। स्थानीय दुर्गा नगर चौराहे पर नगर पालिका द्वारा यह प्रतिमा स्थापित की गई है। अनावरण कार्यक्रम में लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह और सांसद श्री लक्ष्मीनारायण यादव भी उपस्थित थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 July 2018

मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना

मध्यप्रदेश में गेहूँ, चना, मसूर और सरसों की उत्पादकता को बढ़वा देने के लिये राज्य शासन द्वारा मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना लागू किये जाने का निर्णय लिया गया है। इस योजना के क्रियान्वयन से फसल उत्पादकता में बढ़ोत्तरी होगी और 5 वर्ष में किसानों की आय दोगुनी किये जाने की दिशा में एक ठोस प्रयास होगा। प्रदेश में फसलों की उत्पादकता को बढ़ाने के लिये राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन, राष्ट्रीय तिलहन मिशन के अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रमों को क्रियान्वित किया जा रहा है। इसके साथ ही किसानों के बीच नवीन किस्मों के बीजों का प्रचार-प्रसार भी किया जा रहा है। इस योजना के माध्यम से किसानों को फेयर एवरेज क्वालिटी (एफएक्यू) गुणवत्ता के उत्पादन को प्रोत्साहित करना भी है। इन बातों को ध्यान में रखते हुए राज्य शासन ने किसानों के हित में महत्वपूर्ण निर्णय लिये हैं। मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना में रबी 2017-18 में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूँ उपार्जित करने वाले किसानों को 265 रुपये प्रति क्विंटल की राशि पात्र किसानों के बैंक खातों में जमा की जायेगी। किसानों द्वारा 15 मार्च से 26 मई तक कृषि उपज मण्डी में गेहूँ बेचे जाने पर 265 रुपये प्रति क्विंटल की प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। कृषि उत्पाद मण्डी में न्यूनतम समर्थन मूल्य से नीचे अथवा न्यूनतम समर्थन मूल्य से ऊपर गेहूँ बेचा गया हो, दोनों ही स्थिति में मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना का लाभ पंजीकृत किसान को दिया जायेगा। योजना में रबी 2017-18 में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर चना, मसूर एवं सरसों उपार्जित कराने वाले किसानों को 100 रुपये प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि उनके बैंक खाते में जमा करवाई जायेगी। पंजीकृत किसानों द्वारा बोनी एवं उत्पादकता के आधार पर उत्पादन की पात्रता की सीमा तक 10 अप्रैल से लेकर 31 मई तक कृषि उपज मण्डी में विक्रय पर 100 रुपये प्रति क्विंटल की प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। प्रदेश में गेहूँ का पंजीयन 'ई-उपार्जन'' पोर्टल पर तथा चना, मसूर एवं सरसों का पंजीयन भावांतर भुगतान योजना के पोर्टल पर किया गया है। जिलों में योजना के क्रियान्वयन के लिये कलेक्टर की अध्यक्षता में कमेटी गठित की गई है। कमेटी में उप संचालक कृषि विकास एवं किसान कल्याण, सीईओ जिला पंचायत, अतिरिक्त कलेक्टर राजस्व, उप पंजीयक सहकारी संस्था, जिला खाद्य अधिकारी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी केन्द्रीय सहकारी बैंक, जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम, मार्कफेड और जिला लीड बैंक अधिकारी को सदस्य के रूप में शामिल किया गया है। यह समिति लाभान्वित किसानों के बैंक खातों एवं योजना के क्रियान्वयन की निरंतर समीक्षा करेंगे। मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना के संबंध में किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा प्रदेश के जिला कलेक्टर्स को लगातार निर्देश दिये जा रहे हैं। जिला मुख्यालय पर 16 अप्रैल को जिला-स्तरीय किसान सम्मेलन और शाजापुर में राज्य-स्तरीय किसान महा-सम्मेलन होगा। इनकी व्यवस्थाओं के संबंध में भी कलेक्टर्स को निर्देश दिये गये हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 April 2018

जग्गी वासुदेव

  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी ने  विदिशा में आयोजित नदी अभियान कार्यक्रम में कहा कि नदियां मानव जीवन का आधार हैं। इसलिये नदियों को बचाने के लिए आमजनों को भी साथ आना होगा। उन्होंने कहा कि आने वाली पीढ़ी को हम प्रचुर मात्रा में जल और अच्छा पर्यावरण विरासत में दें, इसके लिए सदगुरू श्री जग्गी वासुदेव के अभियान में सबको बढ़-चढ़कर भाग लेना होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विदिशावासियों से अपील की कि नर्मदा सेवा यात्रा की तर्ज पर बेतवा को बचाने के लिए सेवा यात्रा जरूर निकालें। बेतवा बरसाती नदी बनकर ना रह जाए। इसके लिए नदी के दोनो तरफ एक-एक किलोमीटर तक फलदार पौधे लगाए जाएंगे। श्री चौहान ने कहा कि निजी भूमिधारक कृषक भी इस काम में अपनी सहभागिता निभाएं। किसानों द्वारा अपनी निजी भूमि पर पौधे लगाने के लिये उन्हें पचास प्रतिशत अनुदान पर शासन पौधे मुहैया कराएगा और शुरू के तीन वर्षो तक संबंधित किसानों को राज्य सरकार द्वारा मुआवजा राशि भी दी जाएगी। नदी अभियान के संवाहक सदगुरू श्री जग्गी वासुदेव ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने नदी अभियान को धरातल पर अवतरित करने के कार्यो में सबसे ज्यादा मदद की है। उन्होंने पौधो पर अनुदान देने की घोषणा को मील का पत्थर बताते हुए आग्रह किया कि अधिक से अधिक पौधे रोपे जाएं और उन्हें जीवित रखा जाए। फलदार पौधे लगाने एवं औषधीय खेती करने से जहां किसानों को अधिक मुनाफा होगा, वही पर्यावरण बेहतर बनेगा और नदियों में जल की प्रचुर मात्रा बनी रहेगी। सदगुरू ने लोगों से नदी अभियान से जुड़ने की अपील की। सदगुरू श्री जग्गी वासुदेव और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने श्री बाढ वाले गणेश मंदिर के समीप बने बेतवा नदी के तट पर पहुंचकर नदी की पूजा-अर्चना की। सदगुरू ने बेतवा नदी के साथ सेल्फी ली। इस अवसर पर मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह चौहान ने सदगुरू श्री जग्गी वासुदेव को स्मृति चिन्ह के रूप में सांची का स्तूप भेंट किया। श्री बाढ वाले गणेश मंदिर प्रागंण में हुए नदी अभियान कार्यक्रम में राज्यमंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा, विधायक श्री कल्याण सिंह ठाकुर, नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी समेत जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक शामिल हुए।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 September 2017

 मध्यप्रदेश बदनामी

मुझे लगता है मध्यप्रदेश को किसी की नजर लग गई है। कुछ अच्छा घटित नहीं हो रहा है। कृषि बेहतर उत्पादन के बाद भी बेहाल, अन्नदाता आत्महत्या कर रहा है। नौकरशाही की नाफरमानियां और भ्रष्टाचार तो यहां पहले से ही खूंटा गाड़ के बैठे हुए हैैं। बदनामी के व्यापमं और गड़बडियों के सिहंस्थ की स्याही सूख नहीं पा रही है। ऐसे में नर्मदा माई समेत नदियों में रेत के डाकों ने प्रायश्चित स्वरूप मुख्यमंत्री से नर्मदा परिक्रमा करा डाली। मगर बदनामी है कि पीछा ही नहीं छोड़ रही है। प्रदेश के पराक्रमी किसानों ने प्याज की बंपर पैदावार की तो उसकी खरीदी में शिवराज सरकार के भी आंसू निकल पड़े। खुश हैं तो अफसर और व्यापारी। प्याज खरीदी में घाटालों की आशंकाओं का घटाटोप है। भ्रष्टाचार के बादल छाये हुए हैैं। मैदान में कप्तान के स्वरूप में शिवराज सिंह चौहान तो हैैं मगर मंत्रियों की गैरहाजिरी सियासी हालात को संजीदा बना रही है। ब्यूरोकेसी पर निर्भर सरकार उसी के सेबोटेज की शिकार है और अपनी बिगड़ती छवि से सदमें  में है। एक जून से शुरू हुए किसान आंदोलन के बाद एक महीना बीत चुका है, लेकिन खेती-किसानी को लेकर हर दिन कोई नई समस्या लेकर आ रही है। औसतन हर दो दिन में एक किसान कर्ज और उससे पैदा परेशानी के कारण आत्महत्या कर रहा है। कृषि मंत्री, कृषि अधिकारी इन मुसीबतों भरे दिन दिनों में गायब है। सीएम अकेले पड़ गए लगते हैं । उनकी कृषि हिमायती छवि पर बट्टा लग गया है। घबराहट में उन्होंने टॉप करने वाले विद्यार्थियों से कह दिया कि वे खेती ना करें क्योंकि वह किसानों को मरते और खेती को बर्बाद होते नहीं देख सकते। ग्यारह बरस से कृषि को लाभ का धंधा बनाने का वादा करने वाले शिवराज सिंह की खेती ना करें कि सलाह अपनी असफलता की स्वीकारोक्ति है। वे शायद जीवन में पहली बार इस कदर असहाय महसूस कर रहे हैं। जनता से संवाद कर समर्थन पाने में जितने वे कुशल हैं शायद प्रशासनिक पकड़ में उतने ही लचर, कमजोर। उनके खाटी शुभचिंतक भी थोड़ी अगर-मगर के साथ इसे स्वीकार करते हैं। भाजपा नेतृत्व इससे परेशान हैं। मगर इसका हल खुद मुख्यमंत्री को ही लगातार ईमानदार, तर्कसंगत, उच्च कोटि के कठोर निर्णय से खोजना होगा। अभी तो पूरा प्रदेश इससे जूझ रहा है। विरोधियों के लिए यह बड़ा हथियार है। राज्य की हालत यह है कि मुख्यमंत्री जब प्याज 8 रुपए प्रति किलो की दर से खरीदी का एलान करते हैं तो उसी क्षण कृषि, सहकारिता और नागरिक आपूर्ति विभाग को एक साथ सक्रिय हो जाना चाहिए था। खरीदी के साथ-साथ प्याज के बारिश से सुरक्षित भंडारण के लिए। उदाहरण के लिये जब आंख में धूल कंकड़ जाता है तो पलक झपकने और हाथ बचाव के लिए किसी के आदेश की प्रतीक्षा नहीं करते। उसी तरह प्याज के लिए गोदाम, वेयरहाउस और मंडी में शेड के नीचे- ऊपर तिरपाल, पालिथिन का प्रबंध युद्धस्तर पर करना चाहिए था। यदि अधिकारियों ने ऐसा नहीं किया है तो यह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के साथ सेबाटेज भी है। नौकरशाही की नाफरमानियों के बाद यह भीतरघात गंभीर है। यह सब वह अफसरशाही कर रही है जो कृषि उत्पाद का अनुमान लगाने में बुरी तरह फ्लॉप रही। इस वजह से सरकार को पता ही नहीं है कि कितनी प्याज खरीदनी है। स्थिति यह है कि गत वर्ष की तुलना में खरीदी के लिए दोगुनी राशि याने 200 करोड़ रुपए तय हुए थे। अब कहा जा रहा है कि 800 करोड़ रुपए की खरीदी होगी। यह हैरतअंगेज है। यहीं से बड़े घोटाले के साफ  संकेत मिलते हैं। कागज़ पर खरीदी और भुगतान हो जाएगा, जितनी खरीदी हुई है उससे अधिक प्याज सडऩा बता दिया जाएगा। यह सडऩा ही घोटाले के सबूतों को नष्ट करने के प्रबंध के रूप में देखा जा रहा है। मंत्री-अधिकारी कोई मैदान में नहीं है। किसी की जिम्मेदारी तय नहीं होना सरकार की प्रशासनिक कमजोरी का भयावह पक्ष माना जा रहा है। इसी तरह प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं बिगड़ी हुई हैं। अफसरों की रुचि नहीं है। मंत्री अस्पतालों में सुधार के लिए सक्रिय नहीं हैं। इंदौर के एमवाय अस्पताल में 24 घंटे में 17 लोगों की ऑक्सीजन के अभाव में मौत हो जाती है। हिला देने वाली इस घटना पर मंत्री जी का पता नहीं है। स्कूल खुल गए हैं, 60 हजार मास्टरों की कमी है। पच्चीस हजार प्रतिनियक्ति पर होने से और 35 हजार पहले से ही कम है। नई भर्ती के लिए वित्त विभाग ने धन की तंगी के कारण रोक लगा दी है, लेकिन जून में शिक्षा मंत्री गप्प हांकते हुए करीब 35 हजार  से अधिक शिक्षकों की भर्ती कराने की बात करते हैं, जबकि जून में घोषणा नहीं नियुक्ति हो जानी चाहिए थी। विभाग में अफसर लापरवाह हैं और ऐसे में मंत्री की नींद जून में शिक्षण सत्र के दौरान खुल रही है।  पढ़ाई के बाद नगरीय प्रशासन को ही देखें। बारिश के समय शहर के नाले-नालियां साफ नहीं हुए। मगर मंत्री स्तर पर न तो कठोरता से वर्षा पूर्व तैयारियां कराईं और ना अब सजगता दिख रही है। हालात चिंताजनक हैं। चल रहे हैं गप्पों के तीर... राज्य की राजनीतिक परिस्थितियों में सत्ता और प्रतिपक्ष गप्पों के तीर चला रहे हैं। मुख्यमंत्री के ऐलान पर सरकार व भाजपा जनता के साथ मिलकर दो दौर में प्रदेश में 12 करोड़ से अधिक पेड़ पौधे लगाने जा रही है। करीब 7 करोड़ की आबादी वाले प्रदेश में पहले दौर में दो जुलाई को छह करोड़ पौधे 24 जिलों में लगाने का दावा किया गया। एक अनुमान के अनुसार नर्मदा घाटी के दो दर्जन जिलों में साढ़े तीन करोड़ की आबादी है। इनमें बच्चे,बुजुर्ग और महिलाएं भी हैं। सभी आ जाएं तो भी एक-एक, दो-दो पेड़ लगाने पड़ेंगे,  जो कि संभव नहीं है। फिर पौधे, स्थान और लगाने के लिए गड्ढा खोदना जरूरी है, लेकिन व्यवहारिक पक्ष पर किसी का ध्यान नहीं है। पूरी सरकार इवेंट के रूप में चल रही है। मसलन कृषि कर्मण अवार्ड ले लो भले ही, जमीनी हकीकत में किसान आत्महत्या कर रहा है। वैसे ही दावा होगा पेड़ लगाने का रिकॉर्ड पूरा करने का। भले ही पेड़ नजर नहीं आए। अगला वर्ष चुनावी है 2018 में पेड़ लगाने की राशि पौधारोपण के हिसाब से ग्रामीणों को अदा की जाएगी। इसके बदले में पेड़ भले ना दिखें, मगर वोटों की फसल तो काटी ही जा सकती है। गप्पों और योजनाओं के ख्याली पुलाव के बीच इस तरह के इवेंट आगे भी देखने को मिलेंगे। जवाब में आलस-प्रमाद और गुटबाजी में डूबी कांग्रेस आरोपों की झड़ी लगा सकती है। मगर अभी तो उसके हाथ से भी समय की रेत की तरह से फिसल रहा है। नेतृत्व परिवर्तन की बातें कांग्रेस कैंप में गप्पों की तरह तारीख और महीने के साथ आती हैं। मगर होता कुछ नहीं है। हालात यह है कि कांग्रेस कुछ नहीं करने के लिए बदनाम है और भाजपा कार्यकर्ता आधारित संगठन होने के बाबजूद इवेंट आधारित कामों के लिए मशहूर हो गई है। ऐसे में पार्टियों के कार्यकर्ताओं और जनता का भगवान भला करे... सब उल्टा-पुल्टा कहां तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पांव -पांव वाले भैया थे, किसान पुत्र और नर्मदा पुत्र थे, लेकिन अब किसान भी परेशान है और मां नर्मदा समेत प्रदेश की नदियां रेत चोरों की वजह से संकट में है। नैतिकवादी पार्टी भाजपा में अनुशासन और नैतिक मूल्यों की गिरावट आ रही है। कर्ज में डूबे किसान ज्यादा उत्पादन करने के बाद भी मौत को गले लगा रहे हैैं। शांति का टापू मध्यप्रदेश अशांत हो रहा है। आजादी के लिये संघर्ष करने वाली कांग्रेस मध्यप्रदेश में शिथिल पड़ी हुई है। जनसेवक कहे जाने वाले सरकारी कर्मचारी मनमानी कर रहे हैैं। ऐसा लगता है मध्यप्रदेश को किसी की नजर लग गई है। जितनी ठीक करने कोशिश हो रही है उतनी ही उल्टा-पुल्टा हो रहा है...

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 July 2017

shivraj singh form

    मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान आज अल्प-प्रवास पर विदिशा पहुँचे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्राम निमखिरिया स्थित अपने नये फार्म हाउस में उद्यानिकी फसलों को देखा। उन्होंने निर्माणाधीन दुग्ध शीत-केन्द्र का जायजा भी लिया। मुख्यमंत्री ने बेसनगर फार्म हाउस का भी अवलोकन किया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 May 2017

vidisha

मुख्यमंत्री चौहान विदिशा जिले की ग्राम पंचायत इमलिया में कृषि संगोष्ठी में हुए शामिल   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि खेती को मुनाफे का धंधा बनाने के लिये किसानों को आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल जरूर करना चाहिये। उन्होंने कहा कि उद्यानिकी फसलें किसानों के मुनाफे को बढ़ाने में ज्यादा कारगर हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान रविवार को विदिशा जिले की इमलिया ग्राम पंचायत में कृषि संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री कृषि ग्राम संसद में भी शामिल हुए। इस मौके पर उद्यानिकी राज्य मंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा और विधायक श्री कल्याण सिंह ठाकुर भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संगोष्ठी में कहा कि किसान भाई अपने खेतों की मिट्टी का परीक्षण अनिवार्य रूप से करवायें। राज्य सरकार द्वारा किसानों को नि:शुल्क स्वाइल हेल्थ-कार्ड बनाकर दिये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्वाइल हेल्थ-कार्ड से किसानों को अपने खेतों की मिट्टी में कौन-सी खाद कितनी मात्रा में डालनी है, की जानकारी मिलती है। उन्होंने किसानों से नरवाई में आग न लगाने की बात कही। श्री चौहान ने कहा कि नरवाई जलाने से खेती के जैविक मित्र नष्ट हो जाते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा किसानों को अनुदान पर रोटावेटर उपलब्ध करवाये जा रहे हैं, जिसका उपयोग भूसा बनाने के लिये किया जाता है। ग्रामीण क्षेत्र में महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त किये जाने की चर्चा करते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं के अधिक से अधिक स्व-सहायता समूह बनाये जायें। गठित स्व-सहायता समूह को राज्य सरकार की ओर से हर संभव मदद दी जायेगी। उन्होंने कहा कि इमलिया ग्राम पंचायत को आदर्श ग्राम पंचायत बनाया जाना चाहिये। गाँव को जन-भागीदारी से नशामुक्त किया जाये। उन्होंने इमलिया ग्राम में नल-जल योजना तथा इसी सत्र से हाई स्कूल संचालित किये जाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने ग्राम सोंठिया के किसान श्री प्रहलाद सिंह को ट्रेक्टर की चाबी एवं 10 चयनित किसान को किट प्रदाय किये।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 May 2017

विदिशा पोस्ट-ऑफिस पासपोर्ट केन्द्र

  लघु पासपोर्ट सेवा केन्द्र के रूप में करेगा कार्य  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने  विदिशा में भारत के पहले पोस्ट-ऑफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र का शुभारंभ किया। इसके शुरू होने से विदिशा सहित रायसेन, गुना, अशोकनगर, सागर और दमोह जिले के नागरिकों को अब पासपोर्ट बनवाने के लिये भोपाल नहीं जाना पड़ेगा। यह लघु केन्द्र पासपोर्ट सेवा केन्द्र के रूप में कार्य करेगा। आवेदन-पत्र की जाँच के साथ ही उसकी स्वीकृति भी एक ही दिन में पूरा करने का प्रयास किया जायेगा। श्री शेख सोहित और श्री पवन सोनी ने आज इस कार्यालय के माध्यम से अपने पासपोर्ट बनवाये। विदेश मंत्री श्री वाजपेयी के समय प्रदेश को मिला था पहला पासपोर्ट कार्यालय मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि केन्द्र शासन के सहयोग से मध्यप्रदेश को ऐसी सुविधाएँ मिल रही हैं, जिनके बारे में कुछ वर्ष पूर्व सोचना भी मुश्किल था। विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज के आत्मीय सहयोग से मध्यप्रदेश में पासपोर्ट सुविधा का विस्तार हुआ है। श्री चौहान ने कहा कि जब श्री अटल बिहारी वाजपेयी विदेश मंत्री थे, उस समय मध्यप्रदेश को पहले पासपोर्ट कार्यालय की सुविधा मिली थी। श्री चौहान ने कहा कि पहले पासपोर्ट बनवाने के लिये 42 दिन की प्रतीक्षा-सूची थी, जो अब घटकर 3 दिन की रह गयी है। इसे और कम करने के प्रयास जारी हैं। मेडिकल कॉलेज का निर्माण तेजी से मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि विदिशा में मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। साथ ही विदिशा के पास औद्योगिक केन्द्र का भी निर्माण हो रहा है। श्री चौहान ने उद्योगपतियों से आग्रह किया कि वे इस क्षेत्र में भी उद्योग लगायें। विदिशा में किसानों को 270 करोड़ की राहत और 306 करोड़ की बीमा राशि श्री चौहान ने कहा कि अकेले विदिशा जिले में ओला-वृष्टि प्रभावित किसानों के खातों में 270 करोड़ की राहत और 306 करोड़ रुपये की फसल बीमा राशि जमा करवायी जा रही है। जबलपुर, ग्वालियर और सतना में भी खुलेंगे पासपोर्ट कार्यालय पिछले दिनों मुख्यमंत्री श्री चौहान इंदौर में पासपोर्ट लघु सेवा केन्द्र के शुभारंभ समारोह में शामिल हुए थे। इसके साथ ही जबलपुर, ग्वालियर और सतना में भी लघु पासपोर्ट कार्यालय खोले जायेंगे। श्री चौहान ने विदिशा में पासपोर्ट कार्यालय आरंभ करने में आवश्यक सुविधाएँ जुटाने के लिये मध्यप्रदेश के पोस्ट मास्टर जनरल श्री हक को धन्यवाद दिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 February 2017

vidisha danga

  बजरंग दल के नेता दीपक कुशवाहा की हत्या के बाद विदिशा में लगा कर्फ्यू दोपहर तक जारी था। भोपाल संभागायुक्त, आईजी विदिशा कलेक्टर, एसपी स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं। इसके बाद कर्फ्यू में ढील दी जा सकती है। उधर पुलिस ने उपद्रवियों पर 9 अलग-अलग मामले दर्ज किए हैं। घटना के बाद से शहर के चप्पे-चप्पे में पुलिस बल तैनात है। सभी समुदाए के लोगों ने शहरवासियों से शांति की अपील की है। पुलिस मुख्यालय भी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। डीजीपी ऋषि कुमार शुक्ला ने कहा आईजी   भोपाल अभी विदिशा में ही है। स्थिति नियंत्रण में है। किसी को कानून अपने हाथ में नहीं लेने दिया जाएगा। ऋषि कुमार शुक्ला, डीजीपी कमिश्नर अजातशत्रु श्रीवास्तव ने कहा शहर में शांति है। पुलिस पूरे शहर में लगा हुआ है। समीक्षा कर कर्फ्यू में ढील देने का तय किया जाएगा।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 November 2016

Video
Advertisement
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.