Since: 23-09-2009

 Latest News :
इमरान की पार्टी के खिलाफ सेना ने खोला मोर्चा.   बांग्लादेशियों को शरण देने के ममता बनर्जी के बयान पर राज्यपाल ने मांगा जवाब.   केंद्रीय बजट में बिहार के लिए खोला पिटारा आंध्र को 15 हजार करोड़ रुपये का पैकेज.   पंजाब में नया राजनीतिक दल बनाएंगे कट्टरपंथी सांसद सरबजीत सिंह खालसा.   सरकारी कर्मचारी भी संघ के कार्यक्रमों में हो सकेंगे शामिल.   जवाब मिलने तक नीट का मुद्दा उठाते रहेंगे : राहुल गांधी.   कमलनाथ ने केन्द्र सरकार के बजट काे बताया दृष्टिहीन.   इंदौर से रीवा जा रही यात्रियाें से भरी बस पलटी.   बुजुर्ग ने लाइसेंसी बंदूक से खुद को गोली मारी.   मुख्यमंत्री डॉ. यादव की अध्यक्षता में मंत्रि-परिषद के निर्णय.   जलती चिता से निकाला विवाहिता का शव.   धार्मिक कार्यक्रम में मंत्री प्रहलाद पटेल की तबीयत बिगड़ी.   विकसित भारत के लिए यह बजट मील का पत्थर साबित होगा-मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय.   छग विधानसभा मानसून सत्र : अनुपूरक बजट पर चर्चा.   बजट निराश करने वाला और देश को बर्बाद करने वाला- दीपक बैज.   विधानसभा में भाजपा विधायक धरमलाल कौशिक का जल जीवन मिशन में भारी गड़बड़ी का आरोप.   छत्तीसगढ़ की बेटियों ने राज्य और देश का मान बढ़ाया- खेल मंत्री वर्मा.   नगर निगम रायपुर के पांच जोन आयुक्तों का तबादला.  

देश की खबरें

नई दिल्ली । पाकिस्तान में सेना की मजबूत पकड़ और सत्ता प्रतिष्ठान से उसकी राजनीतिक जुगलबंदी एक बार फिर सतह पर आ गई है। पाकिस्तान की सरकार ने सेना को गिलगित-बाल्टिस्तान सहित कई प्रांतों में ऑपरेशन अजम-ए-इस्तेहकम के माध्यम से एक नए सिरे से सक्रिय और आतंकवाद विरोधी अभियान से निपटने के लिए मंजूरी दी है। इसका पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की तहरीक ए इंसाफ पार्टी (पीटीआई) खुलकर विरोध कर रही है। सेना की तरफ से भी पीटीआई के खिलाफ मोर्चा खोल दिया गया है। पाकिस्तान की सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट जनरल अहमद शरीफ ने सोमवार को देरशाम रावलपिंडी में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए पीटीआई का नाम लिए बिना कहा कि संगठित राजनीतिक माफिया आतंकियों के सफाये और आर्थिक विकास के उद्देश्य से शुरू किए गए एक नए आतंकवाद-रोधी अभियान 'अज्म-ए-इस्तेहकाम' के बारे में गलत सूचना फैला रहे हैं ।   दरअसल पाकिस्तान की जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पीटीआई ने ऑपरेशन अज्म-ए-इस्तेहकम का कड़ा विरोध किया है। पीटीआई ने कहा कि खैबर पख्तूनख्वा में किसी भी सैन्य हस्तक्षेप का कड़ा विरोध किया जाएगा। इस्लामाबाद में आयोजित एक उच्चस्तरीय बैठक के दौरान खैबर पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्री अली अमीन गुंदापुर, पीटीआई अध्यक्ष बैरिस्टर गौहर अली खान और असद कैसर सहित कई नेताओं ने सरकार के ऑपरेशन अज्म-ए-इस्तेहकाम से पैदा होने वाली परिस्थितियों का आकलन किया।। पार्टी के सदस्यों ने इस बात पर एकजुटता व्यक्त की है कि अगर खैबर पख्तूनख्वा में किसी भी तरह से कोई सैन्य कार्रवाई की जाती है तो पीटीआई उसका विरोध करेगी। ऑपरेशन अजम-ए-इस्तेहकम के खिलाफ असंतोष को अन्य राजनीतिक संस्थाओं ने भी दोहराया। पीटीआई नेताओं ने कहा कि ऑपरेशन अजम-ए-इस्तेहकम पाकिस्तान की सुरक्षा को मजबूत करने के बजाय उसकी कमजोरियों को बढ़ा सकता है।   पाकिस्तान की संसद में अब सबसे बड़ी पार्टी के रूप में मान्यता मिल जाने के बाद पीटीआई के इस विरोध ने सेना और सरकार के सामने चुनौती खड़ी कर दी  है। इसी के बाद सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट जनरल अहमद शरीफ ने कहा कि अजम-ए-इस्तेहकम को विफल करने के लिए बड़े एक विशाल अवैध राजनीतिक माफिया खड़ा हो गया है और उस माफिया का पहला कदम झूठे और फर्जी तर्कों के माध्यम से अभियान को विवादास्पद बनाना है। अज्म-ए-इस्तेहकाम को लेकर उन्होंने कहा कि यह कोई सैन्य अभियान नहीं है बल्कि एक आतंकवाद-रोधी पहल है जिसका उद्देश्य आर्थिक विकास और स्थिरता को बढ़ावा देना है।  

Madhya Bharat Madhya Bharat 23 July 2024

देश की खबरें

चंडीगढ़ । पंजाब के फरीदकोट से निर्दलीय चुनाव जीतकर सांसद बने गरमपंथी सरबजीत सिंह खालसा ने पंजाब में नए राजनीतिक दल के गठन का ऐलान कर दिया है। प्रस्तावित राजनीतिक दल असम की डिब्रूगढ़ जेल में बंद कट्टरपंथी सांसद अमृतपाल की सरपरस्ती में काम करेगा। सरबजीत सिंह खालसा ने ऐलान किया है कि उनका दल पंजाब में होने वाले एसजीपीसी तथा विधानसभा चुनाव भी है लड़ेगा।   उन्होंने दावा किया कि शिरोमणि अकाली दल सरकार में मंत्री रहे कई नेता और साफ छवि वाले लोग उनके संपर्क में हैं। उन्होंने उन्हें फोन करके कहा है कि आप पार्टी बनाइए, हम आपके साथ चलने को तैयार हैं। उन्होंने लोगों से शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) चुनाव के लिए तैयार रहने और अधिक से अधिक मतदान करने का आह्वान किया है।  सरबजीत सिंह खालसा ने कहा कि जब अमृतपाल सिंह जेल से बाहर आएंगे तो हम सब मिलकर पार्टी बनाएंगे। अमृतपाल सिंह की मर्जी के मुताबिक लोगों को पार्टी सदस्य बनाया जाएगा, पार्टी उनकी सलाह से चलेगी। उन्होंने अपने समर्थकों को सलाह दी कि अगर हम अभी से एक-दूसरे के लिए लड़ने लगेंगे तो यह पंथ के लिए ठीक नहीं होगा। 35 साल बाद कौम ने हमें यह मौका दिया है।   उन्होंने कहा कि हमें आपस में नहीं उलझना चाहिए। सबरजीत सिंह ने कहा कि जहां तक आगे बढ़ने की बात है तो अमृतपाल सिंह के पिता तरसेम सिंह ने उन्हें अमृतपाल की शपथ के लिए लोकसभा स्पीकर से मिलने की पहली जिम्मेदारी सौंपी थी। उन्होंने वह जिम्मेदारी पूरी की। जहां तक पार्टी की बात है तो मुझे नहीं लगता कि अमृतपाल सिंह जेल में हैं, इसलिए मुझे अपनी पार्टी बना लेनी चाहिए। मुझे लगता है कि जब वह बाहर आएंगे, तो हमें पार्टी की घोषणा कर देनी चाहिए।  

Madhya Bharat Madhya Bharat 22 July 2024

मध्यप्रदेश की खबरें

भाेपाल । केंद्र में मोदी सरकार का मंगलवार काे वित्त बजट पेश होने पर मध्य प्रदेश में सत्ता पक्ष और विपक्ष इस पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहा है। प्रदेश में भाजपा की सरकार जहां इस बजट में सभी वर्गों के लिए बेहतर बता रही है, वहीं विपक्ष के बड़े नेता ने सरकार को युवाओं को रोजगार देने का मुद्दा याद दिलाया।   कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी ने माेदी सरकार के बजट काे 'झूठ का बजट' बताया है। उन्हाेंने कहा कि 'मोदी सरकार का इतिहास बताता है कि 2 करोड़ रोजगार देकर सत्ता में आए थे, आज भारत दुनिया का सबसे बड़ा बेरोजगार देश बन रहा है। जीतू पटवारी ने आगे कहा, \"अब सरकार इस बजट में चार करोड़ रोजगार की बात कर रही है।  यानी यानी डबल इंजन की सरकार अब दोगुना झूठ बोल रही है।       वहीं पूर्व सीएम कमलनाथ ने भी केन्द्र सरकार के बजट काे दृष्टिहीन बताया है। उन्हाेंने कहा कि यह दिशाहीन सरकार का दृष्टिहीन बजट है। केंद्र सरकार का आज पेश हुआ बजट जनता को कोई बुनियादी राहत देने के बजाय झुनझुना पकड़ाने वाला दिख रहा है। रोज़गार और आयकर छूट के बारे में जो घोषणाएँ की गई हैं, वह आँख में धूल झोंकने वाली हैं। इनकम टैक्स स्लैब में जो बदलाव किया गया है, वह नाकाफी है और बढ़ती हुई महँगाई के सामने कुछ भी नहीं है।       कमलनाथ ने आगे कहा कि देश के युवा पक्की नौकरी के लिए लगातार संघर्ष कर रहे हैं और बेरोज़गारी का स्तर आसमान पर पहुँच गया है लेकिन केंद्र सरकार ने स्थायी नौकरी के बारे में कोई बात नहीं की। केंद्र सरकार में ख़ाली पड़े पदों को भरने के बारे में भी वित्त मंत्री ने कोई घोषणा नहीं की। सबसे दुखी करने वाली बात यह है कि अन्नदाता किसानों को लेकर सरकार ने बजट में कोई भी सकारात्मक पहल नहीं की है। कहाँ तो 2022 में किसानों की आमदनी दोगुनी की जानी थी और कहाँ 2024 के बजट में भी किसानों को हाशिये पर रखा गया है। इस बजट से आम जनता को निराशा हुई है।        

Madhya Bharat Madhya Bharat 23 July 2024

मध्यप्रदेश की खबरें

भाेपाल । वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को केंद्र सरकार का बजट पेश किया। बजट को मप्र के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने दुनिया में भारत की पहचान बढ़ाने वाला बताया। मुख्यमंत्री यादव ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में विकसित भारत के लक्ष्य को समर्पित बजट प्रस्तुत किया गया है। बजट में दैदिप्यमान भारत का भाव और महंगाई दर पर नियंत्रण की भावना स्पष्टत: परिलक्षित होती है। प्रस्तुत बजट के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बधाई की पात्र हैं।       मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि कृषि उत्पादकता, रोजगार, कौशल प्रशिक्षण, आर्थिक विकास, समावेशी मानव संसाधन विकास और सामाजिक न्याय पर पूरा बजट केन्द्रित है। निश्चित रूप से प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत दुनिया में अपनी एक नई पहचान कायम करेगा। यह बजट मध्यप्रदेश को भी विकास के पथ पर कदम से कदम मिलाने का मौका देगा। विकसित भारत में ही विकसित मध्यप्रदेश की संभावना निहित है। सम्पूर्ण बजट के लिए बधाई और शुभकामनाएं।         विकसित भारत का बजट: केन्द्रीय मंत्री सिंधिया        केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, “एक विकसित भारत, एक आत्मनिर्भर भारत के लिए पूर्ण रूप से सुनिश्चित किया गया है। प्रधानमंत्री की सोच है कि अमृतकाल से शताब्दी काल के सफर में भारत निश्चित रूप से एक विकसित भारत का रूप धारन करे वो इस बजट का मुख्य अंश है। हर एक क्षेत्र को ध्यान में रखते हुए बजट का पूर्ण रूप धारण हुआ है।”           बजट में असीम संभावनाएं: कैलाश विजयवर्गीय        नगरीय विकास और आवास मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने बजट को सर्व जन हिताय, सर्व जन सुखाय बताया। कहा- बजट आत्मनिर्भर और विकसित भारत के लक्ष्य को प्राप्त करने की मजबूत नींव है। बजट में असीम संभावनाएं हैं। हर वर्ग का हित निहित है। बजट नए भारत की समृद्धि का संकल्प और विकसित भारत के लक्ष्य को दर्शाता है। यह अंत्योदय का विजन है। देशवासियों की सेवा का लक्ष्य है। यह बजट गांव, गरीब, किसान, नौजवान और बहनों समेत समाज के हर वर्ग की आशाओं एवं राष्ट्र के सर्वांगीण विकास तथा उत्थान की आशाओं को पूरा करता है। यह बजट सरकार की नौ प्राथमिकताओं पर केंद्रित है।                

Madhya Bharat Madhya Bharat 23 July 2024

छतीसगढ़ की खबरें

रायपुर ।मोदी सरकार 3.0 कार्यकाल के आज पेश हुए प्रथम बजट में \"अमृतकाल विजन - 2047\" की स्पष्ट झलक देखने को मिल रही है। विकसित भारत के लिए यह बजट मील का पत्थर साबित होगा।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय सोशल मीडिया एक्स पर उक्त प्रतिक्रिया व्यक्त की है।        उन्होंने कहा है कि देश के गरीब, युवा, किसान, महिलाओं के चहुंमुखी विकास पर केंद्रित यह बजट छत्तीसगढ़ के हर वर्ग के लोगों के लिए लाभकारी है और राज्य के समग्र विकास के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। बजट की घोषणाओं को राज्य में तेजी से लागू किया जाएगा ताकि छत्तीसगढ़ के लोगों को इसका अधिकतम लाभ मिल सके।छत्तीसगढ़ को इस बजट से विभिन्न क्षेत्रों में लाभ मिलेगा और राज्य की विकास यात्रा को नई ऊंचाईयों तक पहुंचाएगा। इस बजट से राज्य के लोगों को नई उम्मीदें और संभावनाएं मिली हैं, जो छत्तीसगढ़ को आत्मनिर्भर और समृद्ध बनाने में सहायक होंगी।       उन्होंने बजट को सर्वसमावेशी बताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र  मोदी और वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण  का आभार व्यक्त किया है।  

Madhya Bharat Madhya Bharat 23 July 2024

छतीसगढ़ की खबरें

रायपुर ।छत्तीसगढ़  विधानसभा में मानसून सत्र के दूसरे दिन मंगलवार को भाजपा विधायक धरमलाल कौशिक ने प्रश्नकाल में जल जीवन मिशन में गड़बड़ी का मुद्दा उठाया। कौशिक ने सवाल पूछा कि छत्तीसगढ़ जल जीवन मिशन के अंतर्गत कितनी कंपनियों को इंपेनलमेंट किस आधार पर कब-कब किया गया? कितने गांव में पानी पहुंचा है? कितने लोगों को पानी मिला? पूर्ववर्ती सरकार की वजह से जनता आज इसका खामियाजा भुगत रही है?कौशिक ने कहा जल जीवन मिशन में भारी गड़बड़ी हुई है।       भाजपा विधायक धरम लाल कौशिक ने सदन में जल जीवन मिशन में भारी गड़बड़ी का हवाला देते हुए कहा बिल्हा विधानसभा में सिर्फ 10 प्रतिशत काम हुआ है।भाजपा विधायक धर्मजीत सिंह ने सभी 90 विधानसभा में संचालित कार्यों की समीक्षा की बात कहते तंज कसा कि कांग्रेस सरकार में गधे-गंवारों को काम मिलता रहा है।       विधायक धरमलाल कौशिक के प्रश्‍न पर जवाब देते हुए उपमुख्यमंत्री अरुण साव ने बताया कि प्रदेश में 883 संस्था का इंपेनलमेंट किया गया है। अनियमितता पाए जाने के बाद 79 संस्थाओं का पंजीयन निरस्त किया गया।कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 अधिकारी और कर्मचारी निलंबित किए गए। जहां पर भी गड़बड़ी पाई जाएगी उस पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।इसके लिए कमेटी बनाई जाती है, जिसमें 11 अधिकारी शामिल होते हैं जो ये पूरा कार्य देखते हैं। इन सब कार्यों के लिए इनके समानों का अभी इंपेनलमेंट राज्य स्तर पर होता है। इलेक्ट्रो क्लोरिनेटर 2022 में 8 निर्माताओं को नियुक्त किया गया। बाद में इसमें शिकायत मिलने पर इसकी जांच कराई गई। हम लगातार कार्य कर रहे हैं, जहां गड़बड़ी मिल रही वहां कार्यवाही कर रहे हैं। जो इसमें ठेकेदार शामिल थे इसमें कार्यवाही भी की गई है। कई लोगों को निलंबित भी किया गया है।       विधायक धरमलाल कौशिक ने कहा, आपके सूचीबद्ध करने के बाद खरीद  हुई, लेकिन बाद में ये निरस्त क्‍यों किया गया। इसमें अगर कोई अधिकारी गलत है तो क्या इस अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही करेंगे? उपमुख्यमंत्री अरुण साव ने जवाब देते हुए बताया कि इस पूरी योजना में  खरीद ठेकेदारों द्वारा किया जाता है। कहीं पर भी गड़बड़ी पाई जाएगी तो वह कठोर कार्यवाही की जाएगी।श्री  कौशिक ने कहा कि मेरे विधानसभा क्षेत्र के दो ब्लॉक में सिर्फ 10 प्रतिशत काम हुआ है।इस पर अरुण साव ने कहा कि सदस्य की जो शिकायत उस पर जांच  कराएंगे। धर्मजीत सिंह ने कहा कि कांग्रेस सरकार में हुई गड़बड़ी हुई है. जिसका नतीजा ये है कि सभी 90 विधानसभा में यह योजना दम तोड़ रही है। आसंदी से आग्रह करता हूं कि सभी विधानसभा में कार्यों की समीक्षा की जाए। अरुण साव ने कहा सदस्य के सुझाव पर काम होगा।       कांग्रेस विधायक संगीता सिन्हा ने बालोद विधानसभा क्षेत्र के कई गांवों में अपूर्ण कार्यों का उल्लेख करते हुए कहा कि काम कहीं नहीं हो रहा है। मंत्री जी बताए कि पूर्णता की परिभाषा क्या? इस पर अरुण साव ने परीक्षण कराने की बात कही।    

Madhya Bharat Madhya Bharat 23 July 2024

Video
Advertisement
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.