Since: 23-09-2009

  Latest News :
अजय माकन बने कांग्रेस के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष.   विकसित राष्ट्र के लिए आधुनिक हथियारों के साथ मजबूत सशस्त्र बल भी जरूरी : राजनाथ.   भारत में अफगान दूतावास ने आज से परिचालन बंद करने की घोषणा की.   किसानों और पिछड़ों के हितों की अनदेखी कर रही तेलंगाना सरकार : नरेन्द्र मोदी.   कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर हुआ महंगा.   पृथ्वी से 9.2 लाख किलोमीटर से अधिक की दूरी तय कर चुका है आदित्य-एल1 .   प्रदेश में चल रहा सामाजिक क्रांति का अभियानः मुख्यमंत्री शिवराज.   चौरसिया महाकुंभ में कमलनाथ बोले- हम सच्चाई के साथ प्रदेश का भविष्य सुरक्षित करेंगे.   चंदेरी के ऐतिहासिक मंदिर में बनाया जाएगा जागेश्वरी माता मंदिर लोकः शिवराज.   जाम गेट के पास स्कूल बस पलटी 15 बच्चे घायल.   मप्र की पहली मेट्रो ट्रेन का हुआ ट्रायल रन.   इंदौर को दुनिया के सबसे स्वच्छ शहरों में स्थान दिलाने के होंगे प्रयास: शिवराज.   चुनाव ड्यूटी में जाने से पहले कोर्स पूरा कराने में जुटे शिक्षक.   तीन अक्टूबर को बस्‍तर आएंगे पीएम मोदी.   कवासी लखमा ने नाला पार कर ग्रामीण का चुकाया उधार.   यात्री बस से 30 किलो गांजा के साथ एक महिला आरोपित गिरफ्तार.   छत्तीसगढ़ सरकार का लक्ष्य बेरोजगार साथियों को मिले रोजगार : मुख्यमंत्री भूपेश.   बुजुर्गों के स्वास्थ्य व सम्मान का ध्यान रखना हमारी नैतिक जवाबदारी : मुख्यमंत्री.  

खरगोन News


khargon,Bus of BJP workers , collides with truck

खरगोन। भोपाल में आयोजित प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सभा एवं कार्यकर्ता महाकुंभ में भाग लेने के लिए जा रहे भाजपा कार्यकर्ताओं की बस रविवार देर रात सड़क पर खड़े ट्रक में जा घुसी। घटना के दौरान बस में भाजपा के 40 कार्यकर्ता सवार थे। जिसमें से 39 कार्यकर्ता घायल हुए हैं। इनमें से 3 की हालत गंभीर है। इन घायलों में से एक को इंदौर रेफर किया गया है। घटना के बाद सभी घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया। बस में सवार कार्यकर्ताओं ने बताया कि घायल रायसागर, खापर, जामली और रूपगढ़ के निवासी हैं। रात को वे सब बस में सवार होकर भोपाल के लिए निकले थे। देर रात करीब 12:30 बजे कसरावद के पास स्थित ग्राम शारदा में यह घटना हुई। घटना के दौरान बस सड़क पर खड़े ट्रक में जा घुसी सी। दुर्घटना में तीन कार्यकर्ताओं के पैर और सिर पर गंभीर चोट आई है। बाकी सभी को मामूली चोटें हैं। घटना की सूचना मिलते ही रात को कसरावद पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची। पुलिस ने तत्काल घायलों को बस से निकलकर जिला अस्पताल पहुंचाया। घटना के बाद मार्ग पर वाहनों की कतार लग गई।   जिला अस्पताल चौकी प्रभारी आर.सी. शर्मा ने बताया कि हादसे में 39 लोग घायल हुए हैं। अधिकांश को हल्की छोटे लगी है। ग्राम मोहन निवासी पंढरी पिता गजराज 35 वर्ष को पैर में गंभीर चोट आने पर इंदौर रेफर किया गया है। खापर जामली निवासी 22 वर्षीय इशीराम पिता रेवलसिंह और पिपरीपाल निवासी 21 वर्षीय केदार पिता सजन को पैर में चोट आई है। इनका उपचार जिला अस्पताल में ही किया जा रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 September 2023

khargon, truck and car , three police personnel killed

खरगोन। जिले के सनावद थाना क्षेत्र में शनिवार सुबह खरगोन से ड्यूटी कर घर लौट रहे पुलिस कर्मियों की कार और एक ट्रक के बीच जोरदार भिड़ंत हो गई। इस हादसे में तीन पुलिस कर्मियों की मौत हो गई हैं। वहीं, दो अन्य पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।           पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, सनावद थाने में पदस्थ पुलिसकर्मी शुक्रवार को खरगोन में आयोजित ऐतिहासिक शिवडोला में ड्यूटी करने गए थे। रात में वे ड्यूटी करने के बाद कार से सनावद के लिए रवाना हुए थे। शनिवार अलसुबह सनावद पहुंचने से पहले ग्राम बडूद में एस्सार पेट्रोल पंप के पास यह हादसा हो गया। उनकी तेज रफ्तार कार और एक ट्रक के बीच जोरदार टक्कर हो गई। हादसा इतना भीषण था कि कार के परखच्चे उड़ गए। हादसे में कार सवार तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई, जबकि दो अन्य घायल हो गए।         पुलिस के अनुसार, हादसे में तीन पुलिसकर्मी विमल तिवारी, रमेश भास्करे, मनोज कुमावत की मौत हुई है, जबकि रघुवीर रावत और कोमल दांगोडे गंभीर रूप से घायल हुए हैं। घटना की जानकारी मिलते हो वरिष्ठ अधिकारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए और घायलों को इलाज के लिए सनावद के अस्पताल में भर्ती कराया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद दोनों को इंदौर रैफर कर दिया है। पुलिस ने मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल पहुंचाकर मामले की जांच शुरू कर दी है। जानकारी मिलने के बाद पुलिस कर्मियों के परिजनों भी अस्पताल पहुंचे गए हैं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 September 2023

khargon, chapter in November,JP Nadda

खरगोन। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि कारगिल में हमारे जवानों ने अपनी जान की बाजी लगाकर पाकिस्तानी घुसपैठियों को खदेड़ा था, लेकिन 15 महीने की कमलनाथ सरकार ने कारगिल के चैप्टर को ही स्कूली पाठ्यक्रम से हटा दिया। ये देश के लिए जान न्यौछावर कर देने वाले जवानों का अपमान है या नहीं? जवानों के इस अपमान का बदला आपको लेना है और नवंबर में होने वाले चुनाव में उन लोगों का चैप्टर क्लोज कर देना है, जिन्होंने कारगिल के अध्याय को हटाया था। हमें उन लोगों को रोक देना है, जिन्होंने लाडली लक्ष्मी और भावांतर जैसी जनहित की योजनाएं रोक दी थीं और एक बार फिर भाजपा को सेवा का मौका देना है। नड्डा शुक्रवार को खरगोन में नवग्रह मेला ग्राउंड पर आयोजित सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के बनने से सिर्फ देश में सरकार ही नहीं बदली, देश सिर्फ विकास की दिशा में नहीं बढ़ा, बल्कि मोदी ने राजनीति की कार्य संस्कृति को ही बदल दिया है। आज चाहे मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार हो या शिवराज के नेतृत्व वाली राज्य सरकार हो, दोनों प्रो रिस्पॉन्सिव सरकारें हैं, पूरी जिम्मेदारी से काम करती हैं। दोनों सरकारें प्रो एक्टिव हैं और संबंधित व्यक्ति अपनी चिंता करे, उससे पहले ये उसकी चिंता करके काम भी शुरू कर देती हैं। मोदी सरकार गांव, गरीब, पीड़ित, शोषित, वंचित, महिला, युवा, आदिवासी सहित हर वर्ग की चिंता करती है। केंद्र सरकार की योजनाओं को जमीन पर उतारने का काम शिवराज सरकार कर रही है। उन्होंने केन्द्र की योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी। कमलनाथ छीनते हैं, शिवराज दोगुना कर देते हैं   भाजपा अध्यक्ष ने कृषि के क्षेत्र में मोदी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की चर्चा करते हुए कहा कि कांग्रेस के जमाने में कृषि का बजट 22 हजार करोड़ हुआ करता था, जिसे मोदी सरकार ने 1.15 लाख करोड़ तक पहुंचा दिया है। प्रधानमंत्री किसानों को हर साल 6 हजार रुपये किसान सम्मान निधि दे रहे हैं, जिसमें मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार भी पहले 4 हजार रुपये मिलाकर देती थी और अब 6 हजार रुपये देने जा रही है। एकतरफ कमलनाथ हैं, जो लोगों का हक छीनने का काम करते हैं। दूसरी तरफ शिवराज सरकार है, जो उसे दोगुना करके जरूरतमंदों को देती है। मोदी के नेतृत्व में आकार ले रहा नया भारत, दुनिया में बढ़ा सम्मान उन्होंने कहा कि नौ साल पहले भारत को दुनिया एक भ्रष्टाचारी देश के रूप में देखती थी। टूजी, थ्रीजी, कोयला, कॉमनवेल्थ, अगस्ता वेस्टलैंड और न जाने कितने घोटाले उजागर हो रहे थे। लेकिन मोदी के नौ सालों में देश की अर्थव्यवस्था 10वें स्थान से ब्रिटेन को पीछे छोड़ते हुए पांचवें स्थान पर आ गई है। स्टील उत्पादन में भारत चौथे से दूसरे स्थान पर, ऑटोमोबाइल में तीसरे स्थान पर आ गया है। भारत से खिलौनों का एक्सपोर्ट तीन गुना हो गया है। कैमिकल्स के एक्सपोर्ट में 106 प्रतिशत की वृद्धि हुई है और पहले जहां देश में 92 प्रतिशत मोबाइल बाहर से आते थे, आज 97 प्रतिशत मोबाइल यहीं बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहले जब हमारे प्रधानमंत्री अमेरिका जाते थे, तो पाकिस्तान, आतंकवाद और विकास को बाधित किए जाने की बातें होती थीं। लेकिन अभी हमारे प्रधानमंत्री अमेरिका गए, तो उन्हें न सिर्फ राष्ट्रीय सम्मान और स्टेट डिनर दिया गया, बल्कि अंतरिक्ष में सहयोग बढ़ाने, क्रायोजैनिक इंजन की तकनीक और विदेशी निवेश बढ़ाने के समझौते हुए। पहले दुनिया के लोग जब भी भारत का नाम लेते थे, तो इंडिया एंड पाकिस्तान कहते थे, लेकिन अब इंडिया और सिर्फ इंडिया ही सुनाई देता है। हमारे प्रधानमंत्री को आस्ट्रेलिया के पीएम बॉस कहते हैं, अमेरिका के एनएसए उन्हें ग्लोबल लीडर कहते हैं, अमेरिकी राष्ट्रपति उन्हें रिफॉर्मर कहते हैं। मध्य प्रदेश में विकास की गंगा बहा रही डबल इंजन वाली सरकार नड्डा ने कहा कि मोदी की केंद्र सरकार और शिवराज की प्रदेश सरकार मिलकर मध्य प्रदेश को तेजी से विकास के रास्ते पर बढ़ा रही हैं। पहले सिर्फ भोपाल दिल्ली वंदे भारत ट्रेन चलती थी, अब भोपाल-इंदौर और भोपाल-जबलपुर वंदे भारत भी शुरू हो गई है, जो नए मध्य प्रदेश के विकास की कहानी कह रही हैं। नौ साल मध्य प्रदेश में 27 हजार करोड़ की लागत से हाईवे बनाए गए हैं। यहां कई एक्सप्रेस वे का काम प्रक्रिया में है। इंदौर और भोपाल में न्यू मेट्रो का काम चल रहा है। ग्वालियर तथा जबलपुर के एयरपोर्ट का विकास किया जा रहा है और देवास में एयरपोर्ट प्रस्तावित है। प्रदेश में 6 नए मेडिकल कॉलेज बनाए जा रहे हैं, जिनमें खरगोन भी शामिल है। एक लाख सरकारी नौकरियां देने का वादा, इनमें 58 हजार पदों पर नियुक्तियां भी हो गई हैं। प्रदेश सरकार ने हर वर्ग की चिंता करते हुए पिछड़ा वर्ग कल्याण बोर्ड, विश्वकर्मा कल्याण बोर्ड, प्रवासी श्रमिक कल्याण बोर्ड बनाकर यह साबित कर दिया है कि वह सबका साथ, सबका विकास और सबका प्रयास के मंत्र पर आगे बढ़ रही है। शिवराज सरकार ने मेडिकल और इंजीनियरिंग की पढ़ाई भी हिंदी माध्यम से शुरू करा दी है तथा अब गांव के बच्चे भी डॉक्टर बन सकेंगे। भाजपा में साधारण कार्यकर्ता के लिए भी अवसर, अन्य दल परिवारवादी   उन्होंने कहा कि यह भाजपा है, जिसमें एक साधारण कार्यकर्ता प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री बन सकता है। अन्य दलों में सिर्फ परिवार के लोग ही आगे बढ़ सकते हैं। नड्डा ने कहा कि ये सभी परिवार वादी पार्टियां सिर्फ अपने परिवार की ही सेवा कर सकती हैं। लेकिन मोदी बिना किसी भेदभाव के पूरे देश की सेवा कर रहे हैं और भाजपा दिन-रात देश और प्रदेश की सेवा में जुटी है। भाजपा में शामिल हुए कांग्रेस विधायक विजयलक्ष्मी साधौ की बहन प्रमिला साधौ व अन्य नेता खरगोन में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के समक्ष कांग्रेस विधायक विजयलक्ष्मी साधौ की बहन प्रमिला साधो ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। उनके साथ ही कांग्रेस नेता दिनेश साह, पूर्व प्राचार्य केसी भालेकर, पूर्व सीएमओ किशोर गुजर, कांग्रेस नेता राजेन्द्र जैन, पूर्व लेखापाल लक्ष्मण चौबे सहित 100 से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। नड्डा ने उन्हें भाजपा की सदस्यता प्रदान की। रोड शो में हुआ नड्डा का भव्य स्वागत   इससे पहले जेपी नड्डा खरगोन जिले के बरूड़फाटा हेलिपैड पहुंचे। वे जुलवानिया रोड से खुले वाहन में सवार होकर रोड शो में शामिल हुए। इस दौरान वह जनता का अभिवादन स्वीकार करते हुए मेला मैदान पहुंचे। उनका जगह-जगह पुष्प वर्षा कर भव्य स्वागत किया गया। उनके साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कार्यकर्ता व जनता का अभिवादन स्वीकार किया। खरगोन सहित भगवानपुरा, भीकनगांव, कसरावद विधानसभा क्षेत्र, नगर पालिका परिषद खरगोन के स्वागत मंच से पुष्पवर्षा की गई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 June 2023

khargon, Fierce fire ,tire factory

खरगोन। जिले के महेश्वर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कांकरिया में सोमवार को अज्ञात कारणों से एक टायर फैक्ट्री में भीषण आग लगने से वहां काम कर रहे छह कर्मचारी झुलस गए। ग्रामीणों की मदद से घायलों को धामनोद के सरकारी अस्पताल लाया गया, जहां उनका उपचार जारी है। घटना का कारण फैक्ट्री में काम करने के दौरान समय से पहले बायलर खुलना बताया जा रहा है। इससे कर्मचारी आग की चपेट में आग गए।     जानकारी के अनुसार, ग्राम कांकरिया में कई सालों से टायर फैक्ट्री संचालित हो रही है। प्रतिदिन की तरह सोमवार सुबह से कर्मचारियों ने पहुंचकर अपना काम शुरू किया। काम करते समय करीब 11 बजे अचानक से समय से पहले बॉयलर को खोलने से अचानक आग निकली और वहां काम कर रहे 6 कर्मचारी उसी आग की चपेट में आ गए। वहां पर अफरा-तफरी का माहौल बन गया। गांव के लोग भी मौके पर पहुंच गए। सूचना लगते ही महेश्वर एसडीओपी मनोहरसिंह गवली, तहसीलदार राकेश सस्तिया, थाना प्रभारी पंकज तिवारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और राहत एवं बचाव कार्य शुरू किया। ग्रामीणों की मदद से सभी घायलों को तुरंत धामनोद लाया गया, जहां सरकारी अस्पतताल में उनका उपचार जारी है। दमकल की मदद से आग पर काबू पा लिया गया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।   पुलिस के अनुसार, हादसे में कैलाश पुत्र मांगीलाल निवासी आशापुर मनावर, नानूराम पुत्र मूत्रीया निवासी बढ़किया, भीम पुत्र कालू आशापुर मनावर, प्रकाश पुत्र रूमार बेकलिया पुरा, नब्बू पुत्र मोहन मक्छी व धरमराज पुत्र प्रताप राजस्थान घायल हुए हैं। सभी घायलों का धामनोद सरकारी अस्पताल में इलाज किया जा रहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 June 2023

khargon, Overall development ,Rameshwar Teli

खरगोन। केंद्रीय पेट्रोलियम राज्यमंत्री रामेश्वर तेली ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार ने इन नौ वर्षों में शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, रक्षा, धर्म, अध्यात्मक, विज्ञान, तकनीक एवं कृषि सहित पूरे देश में चौतरफा कार्य किए हैं। 2014 के पहले भारत अपनी रक्षा संबंधी जरूरतों के लिए दुनिया की ओर देखता था। वर्तमान में भारत इस क्षेत्र में आत्मनिर्भर होने के साथ हम दुनिया को हथियार निर्यात कर रहे हैं। भारत की सेटेलाइट तकनीकी का दुनिया लोहा मान रही है। यह सब प्रधानमंत्री मोदी की दूरदर्शी सोच का परिचायक है। केंद्रीय मंत्री तेली रविवार को खरगोन प्रवास के दौरान कृष्णा रिसोर्ट में पत्रकार-वार्ता को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने केंद्र सरकार की उपलब्धियों को एलईडी स्क्रीन पर पीपीटी प्रजेंटेशन के द्वारा प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि देश में पेट्रोल और डीजल के मूल्य अंतरराष्ट्रीय आधार पर तय होते हैं। सभी राज्यों में स्वयं की टैक्स व्यवस्था होने से देश में इनके मूल्यों में एकरूपता नहीं है। प्रधानमंत्री मोदी एवं हमारा मंत्रालय चाहता है कि पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाकर इसके मूल्य में एकरूपता लाई जाए। जीएसटी काउंसिल में इस विषय पर चर्चा हों, लेकिन पश्चिम बंगाल एवं दिल्ली राज्य सरकारों ने इस पर आपत्ति जताई है। विपक्ष के विरोध के कारण अब तक पेट्रोल-डीजल जीएसटी के दायरे में नहीं आ पाए हैं। मोदी सरकार के कार्यकाल में लाई अनेक जनहितैषी योजनाएं केंद्रीय मंत्री तेली ने कहा कि मोदी सरकार अपने नौ वर्ष के कार्यकाल में अनेक बड़ी-बड़ी योजनाएं जनता के लिए लाई हैं, जिनमें आवास योजना, नल-जल योजना, 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन, 5 लाख की आयुष्मान योजना इनके उदाहरण हैं। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों को शहर से जुड़ने के लिए सड़कों का निर्माण निरंतर किया जा रहा है। कृषि के क्षेत्र में भी मोदी सरकार प्रारंभ से प्रतिबद्ध है। सरकार ने खाद की कीमत नहीं बढ़ाई और समय पर पर्याप्त खाद किसान को मिल रहा है। किसानों को छह हजार रुपये वार्षिक सम्मान निधि प्राप्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि कहा 30 जून को खरगोन संसदीय क्षेत्र में विशाल सभा का आयोजन होगा जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के शामिल होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि उनका विभाग बीना रिफाइनरी में 50 हजार करोड़ रुपये खर्च करने जा रहा है। उन्होंने इस दौरान विभागीय योजनाओं व कार्यों की विस्तृत जानकारी दी। नया भारत मोदी के सपनों का भारत है केन्द्रीय पेट्रोलियम राज्यमंत्री ने कहा कि मोदी सरकार के बीते नौ वर्षों में भारत गरीबों एवं वचितों की सेवा करने वाला, नारी शक्ति को संबल देने वाला, युवाओं के सपनों को पूरा करने वाला, किसानों के कल्याण को सुनिश्चित करने वाला, सबके लिए सहज और उत्तम सेवाएं उपलब्ध कराने वाला तथा निरंतर विकास करने वाला भारत बना है। आज का भारत विरासत के साथ विकास करने वाला भारत है। आज भारत के विकास में गति भी है, शक्ति भी है, सुरक्षा भी है और संयम भी। यह नया भारत है, प्रधानमंत्री मोदी के सपनों का भारत है। यह मिशन इंडिया के तहत आगे बढ़ता हुआ भारत है। पत्रकार वार्ता में अनुसूचित जन जाति मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री व क्षेत्रीय सांसद गजेंद्रसिंह पटेल ने सम्बोधित करते संसदीय क्षेत्र में हुए विकास कार्यों की विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान मंच पर खगरोन जिला अध्यक्ष राजेंद्रसिंह राठौर, बड़वानी जिला अध्यक्ष ओम सोनी, अभियान के खरगोन लोकसभा क्षेत्र संयोजक कल्याण अग्रवाल, सहसंयोजक लोकेश शुक्ला, राजेंद्र यादव, महिम ठाकुर, विक्रम चौहान, कार्यक्रम प्रभारी प्रकाश भावसार, सह प्रभारी सुनील भावसार मंचासीन थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 June 2023

khargon, Breaking railing , bus fell river

खरगोन। मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में मंगलवार सुबह एक यात्री बस बोराड़ नदी के पुल की रेलिंग तोड़कर 50 फीट नीचे नदी में जा गिरी। इस हादसे में बस सवार 22 यात्रियों की मौत हो गई। मृतकों में तीन बच्चे, नौ महिलाएं और 10 पुरुष शामिल हैं। अन्य 30 यात्री घायल हुए हैं, जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें सात यात्री गंभीर रूप से घायल हुए हैं, जिन्हें प्राथमिक उपचार के बाद इंदौर रैफर किया गया है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए गए हैं।   जानकारी के अनुसार खरगोन जिले के ग्राम टांडा बरुड़ के पास श्रीखंडी गांव से इंदौर की जा रही मां शारदा ट्रेवल्स की बस में 50 से 60 लोग सवार थे। बस मंगलवार सुबह करीब 8.30 बजे डोंगरगांव व दंसगा के बीच बोराड़ नदी के पुल से नीचे गिर गई। बताया जा रहा है कि बस पुल की रांग साइड की रेलिंग तोड़ते हुए करीब 50 फीट नीचे जा गिरी। हादसे में 22 लोगों की मौत होने की पुष्टि हो चुकी है, जबकि 30 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। घायलों को डोंगरगांव प्राथमिक उपचार के बाद खरगोन जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मृतकों में तीन बच्चे और छह महिलाएं और अन्य पुरुष शामिल हैं। हादसे के बाद घटनास्थल पर लोगों को भीड़ जमा हो गई। लोगों ने बस के कांच तोड़कर घायलों को बाहर निकाला। सूचना मिलते ही कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा, आईजी, एसपी, एसडीओपी और प्रतिनिधि मौके पर पहुंच गए। कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा ने बताया कि 22 लोगों की मौत हुई है। आईजी राकेश गुप्ता ने बताया कि बस खरगोन के बेजापुर से इंदौर की ओर जा रही थी। रफ्तार तेज होने के कारण अनियंत्रित होकर रेलिंग तोड़ते हुए पुल से नीचे जा गिरी। नदी सूखी होने के कारण अधिकतर यात्रियों को चोट लगी है। इनमें से 15 यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई थी। विधायक रवि जोशी से बातचीत में ग्रामीणों ने कहा कि यहां से रोजाना बसें ओवरलोड होकर तेज रफ्तार में गुजरती हैं, ग्रामीणों के रोकने-टोकने पर बस वाले विवाद करने पर उतारू हो जाते हैं। ग्रामीणों ने कहा कि बस वाले टाइम कवर करने के चक्कर में यात्रियों की जान जोखिम में डालते हैं। आरटीओ का इस ओर ध्यान नहीं है। ग्रामीणों ने बताया कि रोड तो अच्छा है, लेकिन घुमावदार है और पुल, पुलिया भी घुमावदार और अंधे मोड़ों के पास है।   राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने बस हादसे पर जताया दुख राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने ट्वीट कर बस हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने लिखा कि खरगोन, मध्यप्रदेश में हुए बस हादसे में कई लोगों के हताहत होने की खबर से मुझे अत्यंत दुख हुआ है। इस दुर्घटना में अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति मैं गहन शोक-संवेदनाएं व्यक्त करती हूं और घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करती हूं। वहीं, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि खरगोन में हुआ सड़क हादसा अत्यंत दुखद है। इसमें जिन लोगों ने अपने प्रियजनों को खोया है, उनके प्रति मेरी शोक-संवेदनाएं। इसके साथ ही मैं सभी घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं। राज्य सरकार की देखरेख में स्थानीय प्रशासन मौके पर हरसंभव मदद में जुटा है। मृतकों के परिजनों को 6 लाख की मदद का ऐलान मध्य प्रदेश सरकार खरगोन बस हादसे में मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देगी। गंभीर घायलों को 50 हजार और अन्य घायलों को 25 हजार रुपये की मदद दी जाएगी। सभी घायलों का इलाज सरकार करवाएगी। सरकार ने बस हादसे की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं। वहीं, प्रधानमंत्री राहत कोष से मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। खरगोन हादसे पर परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत का कहना है कि शुरुआती जांच में सामने आया है कि संकरा पुल होने की वजह से हादसा हुआ। बस की स्पीड तेज नहीं थी। जांच में बस का फिटनेस सही पाया गया है। बस में क्षमता से ज्यादा यात्री नहीं थे। हादसे की वजह ड्राइवर को नींद लगना हो सकती है। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा, कार्रवाई की जाएगी। मृतकों के नाम दुर्घटना में मारे गए लोगों की पहचान विवेक (23) पुत्र प्रेमचंद पाटीदार निवासी गंधावड थाना ऊन खरगोन, सोम (11 माह) पुत्र दिनेश निवासी घेगांवा थाना ऊन खरगोन, दुर्गेश (20) पुत्र साजन सिंह निवासी मोटापुरा बाना ऊन खरगोन, मुस्कान (14) पुत्री कालू निवासी देवगुराडिया इंदौर, संजय (30) पुत्र पंडरी निवासी सुरपान बनाउन, देवकी पत्नी रमेशचंद्र वर्मा निवासी धरमपुरी धार, धनालाल गुर्जर निवासी लोनारा थाना मेनगांव खरगोन, संतोष (45) पुत्र गंगाधर बारचे निवासी छालपा मेनगांव खरगोन, सविता बाई पत्नी भगवान वर्मा, मद्राणीया बाना ठीकरी बड़वानी, रामकुंवर (60) पत्नी दुलीचंद मानकर निवासी लोनारा थाना ऊन खरगोन, प्रियांशु (1 वर्ष) पुत्र लखन निवासी अतरसम्भा थाना बेड़िया खरगोन, आंचल (18) पुत्री सुंदरलाल वास्कले निवासी घटवा थाना ठीकरी बड़वानी, लक्ष्मीबाई (32) पत्नी महेश वास्कले निवासी घटवा थाना ठीकरी बड़वानी, मांगती बाई (75) पत्नी मंशाराम वास्कले निवासी घटवा थाना ठीकरी बड़वानी, सुखदेव पाटीदार निवासी पिपरी थाना ऊन खरगोन, मलु बाई पत्नी भगवान निवासी लोनारा थाना ऊन खरगोन, कान्हा पुत्र संतोष पाटीदार निवासी पिपरी थाना ऊन खरगोन, कल्लू बाई पत्नी जोगीलाल पाटीदार निवासी पिपरी थाना ऊन खरगोन, पिंकी पत्नी कालू वास्कले निवासी जरवाहा थाना ठीकरी बड़वानी, सुमित पुत्र कमल निवासी बोरखड़ थाना मनावर धार और अर्जुन निवासी जोटपुर थाना मनावर के रूप में हुई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 May 2023

bhopal, Agriculture Minister ,Ambedkar Jayanti

खरगोन /भोपाल। प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने डॉ अंबेडकर की जयंती के अवसर पर अपने प्रभार जिले खरगोन के सनावद पहुंचे। अंबेडकर जयंती के अवसर पर कृषि मंत्री कमल पटेल ने अपने प्रभार जिले में विकास कार्यों का पिटारा खोलते हुए कई सौगातें दी। कृषि मंत्री कमल पटेल ने यहां भारत सरकार और मध्य प्रदेश शासन के संयुक्त उपक्रम "सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट योजना "जिसकी लागत लगभग 44 करोड़ रुपए है, का भूमि पूजन किया। साथ ही विधायक सचिन बिरला की मांग पर कई महत्वपूर्ण कार्यों की स्वीकृति मंडी निधि से करवाने की स्वीकृति प्रदान की। कार्यक्रम में स्थानीय सांसद ज्ञानेश्वर पाटिल, विधायक सचिन बिरला, विधायक हितेंद्र सिंह सोलंकी, सुनीता इंदर बिर्ला नगर पालिका अध्यक्ष सनावद के साथ भाजपा जिला अध्यक्ष एवं सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 April 2023

khargon, Absconding, retired ASI arrested

खरगोन। मध्य प्रदेश के खरगोन शहर में बीते साल अप्रैल में रामनवमी के मौके पर निकाले जा रहे जुलूस के दौरान हुए पथराव और आगजनी की घटना के बाद हुई सांप्रदायिक हिंसा में लिप्त एक और आरोपित की गिरफ्तारी हुई है। पुलिस ने शनिवार को मामले में फरार चल रहे 63 साल के रिटायर्ड एएसआई नासिर अहमद पुत्र नजीर अहमद को एसडीएम कार्यालय के पास से गिरफ्तार किया है।     जानकारी के अनुसार, आरोपित रिटायर्ड एएसआई नासिर अहमद की गिरफ्तारी के लिए दो हजार रुपये का इनाम घोषित था। आरोपित ने दो महीने पहले जिला न्यायालय में अग्रिम जमानत की याचिका लगाई थी। कोर्ट ने उसकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी। याचिका खारिज होने के बाद से वह फरार चल रहा था। रिटायर्ड एएसआई नासिर के खिलाफ पथराव, तोड़फोड़, आगजनी, विस्फोट करना व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज है।     कोतवाली थाना प्रभारी बीएल मंडलोई ने बताया कि खरगोन दंगे का आरोपित दस माह से फरार था। उसे शनिवार को कोर्ट परिसर से मुखबिर की सूचना पर पकड़ा गया है। आरोपित नासिर को कोर्ट में पेश किया गया और पुलिस ने दो दिनों की रिमाड मागी है। साथ ही अब तक खरगोन दंगो के मामले में 300 के आसपास गिरफ्तारियां हो चुकी है। पुलिस कार्रवाई कर रही है। जल्द ही इस मामले से जुड़े बाकी के आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 February 2023

khargon, Three children , same family ,drowning well

खरगोन। जिले के ऊन थानांतर्गत ग्राम मोठापुरा में बुधवार को घर से खेलने निकले तीन बच्चों की कुंआनुमा गड्डे में डूबने से मौत हो गई। तीनों बच्चे गड्ढे में टायर से तैरने की प्रैक्टिस कर रहे थे। इसी समय ये हादसा हो गया। काफी देर तक घर वापस नही लौटने पर परिजन तलाश करते हुए मौके पर पहुंचे तो वहां तीनों का शव पानी के ऊपर तैरते हुए मिले। परिजन तुरंत उन्हें अस्पताल लेेकर पहुंचे जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। तीनों मासूम आपस में रिश्तेदार है और आदिवासी गांव से है। इस घटना के बाद गांव में मातम छा गया है। जानकारी अनुसार प्रीतेश (13 साल) पुत्र रामलाल, विक्रम (8 साल) पुत्र घनश्याम, वंश (9 साल) पुत्र रविंद्र निवासी मोटापुरा तीनों बच्चें बुधवार सुबह नौ बजे अपने घर से खेलने के लिए निकले थे। दोपहर ग्यारह बजे तक तीनों घर नहीं लौटे तो परिजनों ने उनकी खोजबीन शुरू की लेकिन बच्चों का पता नहीं चला। वंश के पिता रविन्द्र ने बताया कि हम सुबह से मजदूरी पर गए थे। घर से फोन आने पर पता चला कि तीनों बच्चें स्कूल का समय हो जाने पर भी घर नहीं पहुंचे। फिर इनकी तलाश शुरू की गई। तीनों बच्चों के जूते और चप्पल गायत्री मंदिर के पीछे स्थित गड्ढे के बाहर मिले। ये गड्ढा करीब 5 फीट गहरे है और पूरा पानी से भरा है। कुएं नुमा गड्ढे में देखने पर तीनों के शव पानी में तैरते मिले। लोगों ने तुरंत तीनों बच्चों को बाहर निकाला और पुलिस को सूचना देकर तीनों बच्चों को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। जहां जांच उपरांत डॉक्टर ने तीनों बच्चों को मृत घोतिष कर दिया। जिला अस्पताल पहुंचे परिजनों ने बताया कि तीनों मासूम आपस में रिश्तेदार है। जिसमें प्रितेश और वंश दो भाईयों के बच्चे है। वहीं विक्रम मामा का लडक़ा है। इनमें विक्रम कक्षा तीसरी, वंश कक्षा पांचवी और प्रितेश कक्षा सातवीं में पढ़ता है। ऊन टीआई गीता सोलंकी ने बताया कि मोटापूरा गांव में तीन बच्चों के डूबने की सूचना उनके परिजनों द्वारा दी गई थी। जांच के लिए एएसआइ को घटना स्थल पर भेजा गया। इस घटना के बाद पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है। मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं एसपी धर्मवीर सिह ने बताया की टंकी निर्माण के दौरान जिस एजेंसी ने गड्ढा खुला छोड़ा, उसके खिलाफ जांच कर कार्रवाई करेंगे। लापरवाह एजेंसी या जो भी दोषी होगा उस पर एक्शन लिया जाएगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 January 2023

indore,Bus , Khandwa overturned, three people died

खरगोन। इंदौर से खंडवा जा रही एक यात्री बस खरगोन जिले के बड़वाह थाना क्षेत्र में अनियंत्रित होकर पलट गई। इस हादसे में तीन व्यक्तियों की मौत हो गई, जबकि 40 से अधिक घायल हो गए। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को अस्पताल पहुंचाया। वहीं, मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। मृतकों में एक महिला और दो पुरुष शामिल है। खरगोन कलेक्टर ने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की बात कही है।     पुलिस के अनुसार, शर्मा ट्रेवल्स की बस रविवार को इंदौर से खंडवा की ओर जा रही थी। सुबह करीब 11.30 बजे बड़वाह से करीब 7 किलोमीटर दूर बागफल और मनिहार के बीच बस अनियंत्रित होकर पलट गई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार हादसे के बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गई। चीख-पुकार सुनकर मौके पर मौजूद लोगों ने मोर्चा संभाला और लोगों को क्षतिग्रस्त बस से निकाला। राहगीरों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को बड़वाह के शासकीय अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है। फिलहाल मृतकों की पहचान नहीं हो पाई है।   पुलिस के अनुसार, 35 सीटर बस में करीब 45 से अधिक यात्री सवार थे। हादसे में एक महिला समेत तीन लोगों की मौत हुई है, जबकि 40 से ज्यादा यात्री घायल हुए हैं। घायलों में सात लोगों को गंभीर हालत में इंदौर रैफर किया गया है। गंभीर घायलों में से एक व्यक्ति का हाथ धड़ से अलग हो गया है। रविवार को छुट्टी का दिन होने से यहां अस्पताल में स्टाफ की कमी है, इसिलए घायलों के इलाज के लिए बड़वा के निजी डॉक्टर और उनके स्टाफ भी शासकीय अस्पताल पहुंचे हैं। कई स्वयंसेवी संस्थाओं के सदस्य भी अस्पताल पहुंचे हैं, जो घायलों की सहायता कर रहे हैं।     इस घटना के लिए यात्री बस चालक की लापरवाही को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। यात्रियों का कहना है कि चालक ने शराब पी रखी थी और तेज रफ्तार में बस चला रहा था। इसीलिए ओवरटेक करते समय यह हादसा हो गया। इंदौर के चंदन नगर में रहने वाले असरद मंसूरी भी बस में थे। असरद बस से सनावद जा रहे थे। उन्होंने बताया कि बस में भीड़ ज्यादा होने की वजह से वे बोनट पर बैठे थे। चालक बहुत स्पीड में बस चला रहा था। उसे कई बार धीमे चलाने के लिए कहा। ड्राइवर ने कार को आवरटेक किया। इसमें बस का एक पहिया रोड से नीचे उतर गया। ड्राइवर ने बस को वापस रोड पर चढ़ाने की कोशिश, लेकिन वह नियंत्रण खो बैठा। बस वापस रोड पर नहीं चढ़ी। रफ्तार ज्यादा होने से बस तीन बार पलटी खाई और काटों वाली झाड़ियों में घुस गई।     जानकारी मिलने के बाद खरगोन कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम बड़वाह के सिविल अस्पताल पहुंचे और घायलों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि घटना बेहद दुखद हुई। तीन लोगों की मौत हुई है। मृतकों को शासन के नियमानुसार 4-4 लाख का मुआवजा मिलेगा। हमारे लिए एक-एक जान कीमती है। चार दिनों में 3 बस दुर्घटनाएं हुई हैं। जिले में अब ओवर स्पीडिंग करने वाले बस चालकों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई होगी। हमारी प्राथमिकता है कि सड़कें सुरक्षित रहे। इस संबंध में भी परमिट को लेकर इंदौर आरटीओ से चर्चा की जाएगी। स्कूल बसों में भी स्पीड गवर्नर लगे और उनका पालन हो। ऐसी कार्रवाई जिले में होगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 January 2023

पेट्रोल-डीजल टैंकर के पलटने से तेज धमाका

  डीजल-पेट्रोल लूटने पहुंचे ग्रामीण हुए शिकार खरगोन में पेट्रोल डीजल से भरा  टैंकर पलटने से भीषण हादसा हो गया। टैंकर पलटने के करीब दो घंटे बाद टैंकर में धमाका हो गया।  धमाके में एक युवती की मौत हो गई वहीं कई लोग घायल हो गए।  पेट्रोल-डीजल से भरा टैंकर पलट गया। इस दौरान वहां ग्रामीणों की भीड़ लग गई।  तभी टैंकर में जोरदार ब्लास्ट हो गया। ब्लास्ट इतना तेज हुआ की 20 साल की एक युवती का केवल कंकाल ही बचा।  साथ ही वहां मौजूद 21 लोग झुलस गए। बिस्टान थाना क्षेत्र के ग्राम अंजनगांव में टैंकर टर्न पर अनियंत्रित होकर पलट गया। टैंकर झिरनिया जा रहा था। टैंकर पलटने की जानकारी ग्रामीणों को मिलते ही लोग टैंकर के पास पहुंचे।  ये अपने घरों से डीजल-पेट्रोल भरने के लिए बर्तन लेकर पहुंचे थे।  इसी दौरान ये ब्लास्ट हो गया। जिससे लोग घायल हो गए। टैंकर में 8 हजार लीटर पेट्रोल और 4 हजार लीटर डीजल भरा हुआ था।  टैंकर पलटने के करीब दो घंटे बाद धमाका हुआ। फायर ब्रिगेड से आग पर काबू पाया गया।  पुलिस ने घायलों को 108 एंबुलेंस से जिला अस्पताल पहुंचाया। घायलों में 7 बच्चे और 14 महिला-पुरुष शामिल हैं।  अब  तक 17 घायलों को इंदौर रेफर किया गया है   4 का इलाज खरगोन जिला अस्पताल में चल रहा है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 October 2022

kharghon,  attacked SP , Khargone violence , identified

खरगोन। मध्य प्रदेश के खरगोन शहर में 10 अप्रैल को रामनवमी पर हुई सांप्रदायिक हिंसा के दौरान एसपी सिद्धार्थ चौधरी पर एक व्यक्ति ने तलवार से हमला किया था, जबकि दूसरे ने उन्हें गोली मार दी थी, जिससे वे गंभीर रूप से घायल हो गए थे। वीडियो फुटेज के आधार पर पुलिस ने दोनों आरोपितों की पहचान कर ली है। फिलहाल दोनों फरार बताए जा रहे हैं। पुलिस उनकी तलाश में जुटी है।   खरगोन में रामनवमी पर निकाली जा रही शोभायात्रा के दौरान सांप्रदायिक हिंसा फैल गई थी। पुलिस ने गुरुवार को दो ऐसे उपद्रवियों की पहचान कर रही है, जिन्होंने हिंसा भड़काने में कोई कसर नहीं छोड़ी। इनमें एक उपद्रवी एसपी को मारने के लिए तलवार लेकर दौड़ा था, जबकि दूसरे ने उन्हें गोली मार दी थी। पुलिस ने दोनों आरोपितों पर रासुका की कार्रवाई कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।   प्रभारी एसपी रोहित काशवानी ने बताया कि जिन दो आरोपित नवाज और मोहसिन पर रासुका लगाई गई है, वे आदतन अपराधी हैं। दोनों के खिलाफ पूर्व में भी मारपीट, पत्थरबाजी और शांतिभंग करने के मामले दर्ज हैं। पुलिस ने फिलहाल नवाज के खिलाफ अलग-अलग धाराओं में 8 केस और मोहसिन के खिलाफ विभिन्न धाराओं में 10 केस दर्ज किए हैं। दोनों आरोपित पुलिस गिरफ्त में हैं। इसके अलावा वसीम उर्फ मोहसिन ने एसपी सिद्धार्थ चौधरी पर कट्टे से फायर किया था, जबकि इरफान खान ने भीड़ पर तलवार से हमला किया था।   एएसपी अंकित जायसवाल ने बताया कि जिन दो आरोपित नवाज और मोहसिन के खिलाफ रासुका की कार्रवाई की गई है। वे दोनों दंगों के दौरान सक्रिय थे। दोनों ने उपद्रवियों को भड़काने के साथ ही दंगों के दौरान अहम रोल अदा किया। रामनवमी पर हुए दंगों में दोनों आरोपित अन्य उपद्रवियों के संपर्क में थे और उन्हें भड़का रहे थे, इसलिए इन दोनों पर पुलिस ने जांच के बाद रासुका की कार्रवाई की है।   उन्होंने बताया कि एसपी के प्रधान आरक्षक गनमैन एसएएफ प्रथम वाहिनी गिलदार (45) पुत्र रायसिंह सोलंकी ने एफआईआर दर्ज कराई है। जिसमें गनमैन ने बताया कि वसीम उर्फ मोहसिन पुत्र जानू संजय नगर मुबावाली गली ने कट्टे से फायर किया था। इरफान खान संजय नगर ने भीड़ पर तलवार से हमला किया था। गिलदार सिंह ने बताया कि दंगे वाले दिन एसपी और बल ने दोनों पक्षों के लोगों को भगाने के लिए आंसू गैस छोड़ी, तभी वर्ग विशेष का व्यक्ति भीड़ में से सफेद कपड़े पहने सिर पर सफेद कपड़ा बांधे हाथ में तलवार लिए भीड़ में घुस आया। वह तलवार से लोगों पर वार करने लगा। भीड़ को बचाने के लिए मैं, एसपी, ड्राइवर, रीडर व अन्य बल भीड़ में घुसे और उसकी तलवार पकड़कर छीनने का प्रयास किया। एसपी के हाथ में चोट लगी। वह व्यक्ति तलवार छुड़ाकर भीड़ की तरफ भागा, तभी भीड़ में से किसी व्यक्ति ने कट्टे से फायर किया, जिसका एक छर्रा एसपी के बाएं पैर में लगा और खून निकलने लगा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 April 2022

kharghon,MP High officials, reached Khargone

खरगोन। भोपाल से गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ. राजेश राजौरा और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक विपिन माहेश्वरी ने मंगलवार को खरगोन के हालातों का जायजा लिया। भोपाल से आये दोनों अधिकारियों ने प्रभावित क्षेत्रों का सबसे पहले स्थल निरीक्षण किया।   दोनों अधिकारियों ने निरीक्षण की शुरुआत औरंगपुरा से तालाब चौक और फिर संजय नगर से छोटी मोहन टॉकीज और तालाब चौक के बाद नवीन कलेक्टर परिसर पहुँचे। तालाब चौक में दोनों अधिकारियों ने हालात समझने की कोशिश की। तालाब चौक में इंदौर संभागायुक्त डॉ. पवन शर्मा ने पूरे हालात के बारे में बताया। इसके पश्चात काफिला संजय नगर की ओर निकला। संजय नगर में ईशाद कल्लू व फिरोज कल्लू, आंगनबाड़ी कार्यकता आशा पंवार, जगदीश जायसवाल, महेश पेमा जी कुल्मी, पन्नालाल रणछोड़, अकीला, ईशाद कल्लू व फिरोज कल्लू से मिले।।     एसीएस डॉ. राजौरा और एडीजी माहेश्वरी ने घरों के भीतर जाकर बरामदे किचन और हॉल की हालात देखें। इसके पश्चात भाटवाड़ी और सराफा बाजार की स्थितियों का अवलोकन किया। भाटवाड़ी में योगेश कानूनगों, राजेन्द्र पंढरीनाथ, कैलाश कृष्णलाल, महेश धन्नालाल महाजन, के घरों में जाकर भी चर्चा की। दोनों ही अधिकारियों ने नागरिको से चर्चा में नुकसानी के साथ-साथ उनके रोजगार आदि कार्यों के बारे में विस्तार से जाना। इस दौरान इंदौर संभागायुक्त डॉ. शर्मा, आईजी राकेश शर्मा, कलेक्टर अनुग्रहा पी. एसपी रोहित काशवानी सहित अपर कलेक्टर एसएस मुजाल्दा, एसडीएम मिलिंद ढोके व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।     दोनों पक्षों के साथ की अलग-अलग बैठक   स्थल निरीक्षण करने के बाद दोनों ही अधिकारियों ने नवीन कलेक्टर परिसर स्थित सभागृह में अलग-अलग समय पर दोनों पक्षों के साथ बैठक की। बैठक के दौरान उपस्थितों को बारी बारी सुना गया। दोनों ही पक्षों ने दंगाइयों पर कठोर कार्यवाही करने की बात रखी। साथ ही शांति का भी प्रस्ताव दोनों ही पक्षों ने रखा।     बैठक समापन पर एसीएस डॉ. राजौरा ने कहा कि सब लोगों को साथ रहना है। शांति के वातावरण का निर्माण करें। कार्यवाही में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी। आप लोगों ने जो जो बिंदु बताए उनकी डिटेल नोट कर ली गई है। बैठक के दौरान पूर्व कृषि राज्य मंत्री बालकृष्ण पाटीदार, विधायक रवि जोशी, पूर्व विधायक बाबूलाल महाजन, मनोज रघुवंशी, रंजीत डंडीर, राजेन्द्र राठौड़, परसराम चौहान, कल्याण अग्रवाल, कैलाश अग्रवाल, ओमप्रकाश पाटीदार, श्याम महाजन, शालिनी रातोरिया, प्रकाश रत्नपारखी, मोहन जायसवाल और दूसरे पक्ष के साथ हुए बैठक में सदर अल्ताफ आजाद, सचिव इस्माइल पठान, सदस्य फारूक टाटा, पूर्व सदर हनीफ खान, इमरान खान, जमियत उलमा हिन्द के अध्यक्ष हाफिज चांद साहब एवं बोहरा समाज के अध्यक्ष सैफुद्दीन बोहरा उपस्थित रहे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 April 2022

kharghon,Curfew relaxed ,groom came out  procession

खरगोन। मध्य प्रदेश के खरगोन में रामनवमी पर हुई सांप्रदायिक हिंसा के बाद लगाए गए कर्फ्यू में रविवार को पहली बार एक साथ चार घंटे की ढील गई। यह ढील सुबह 8 से 12 बजे तक थी। इस दौरान वाहनों को इजाजत नहीं दी गई थी। लोगों को पैदल ही बाजार जाकर खरीदारी करनी पड़ी। इस दौरान यहां एक शादी भी हुई। कर्फ्यू में चार घंटे की ढील मिली तो दूल्हा पैदल ही बारात लेकर निकल पड़ा। न बैंड-बाजा था और न घोड़ी, न बाराती। दूल्हा-दुल्हन और चंद परिजनों की मौजूदगी में यह शादी संपन्न हो गई।   खरगोन में रामनवमी पर तालाब चौक से ही पथराव की शुरुआत हुई थी। तालाब चौक शहर का सबसे संवेदनशील इलाका है। यहां रहने वाले अमन कर्मा की जिला मुख्यालय से 35 किलोमीटर दूर कसरावद निवासी श्वेता से 17 अप्रैल को शादी होना तय हुई थी। परिजनों ने बताया कि चार महीने से शादी की तैयारियां चल रही थीं। हर मां-बाप की ख्वाहिश होती है कि उसकी बेटी या बेटे की शादी धूमधाम से हो, लेकिन कर्फ्यू के कारण ऐसा नहीं हो पाया। हालांकि, खुशी की बात है कि रविवार को कर्फ्यू में चार घंटे की ढील मिलने के कारण तय समय पर शादी हो गई।   दूल्हे अमन कर्मा ने बताया कि रविवार को प्रशासन की तरफ से सुबह 8 से दोपहर 12 बजे तक कर्फ्यू में ढील दी गई थी। इससे काफी राहत मिली। यह कमी जरूर खल रही है कि शादी में कई दोस्त और रिश्तेदार नहीं आ पाए। बारात पैदल ही शहर के बाहर तक गई और फिर वहां से कसरावद के लिए गाड़ियां की। दूल्हे के साथ उनकी बहन पायल, मां सीमा, पिता आलोक और कुछ रिश्तेदार ही इस बारात में साथ थे। दुल्हन की बहन पायल का कहना है कि अच्छा तो नहीं लग रहा है, लेकिन शादी के लिए बहुत सारी तैयारियां की थीं। इसलिए यह शादी हो गई। शादी की सभी रस्में आस-पास के कुछ लोगों की मौजूदगी में पूरी कीं। रिसेप्शन कर्फ्यू के कारण निरस्त करना पड़ा।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 April 2022

Khargone ,Violence,Curfew relaxed

खरगौन। सांप्रदायिक हिंसाग्रस्त प्रदेश के खरगोन में शुक्रवार को सुबह भी दो घंटे की ढील दी गई। इस दौरान लोगों ने आवश्यक चीजों की खरीदारी की। कर्फ्यू में ढील के दौरान पुलिस की कड़ी नजर रही। जुमा और गुड फ्राइडे पर सभी धर्मालय बंद रहे। जुमे की नमाज लोगों ने घरों पर पढ़ी और शनिवार को हनुमान जयंती पर भी मंदिर बंद रखने के निर्देश दिए हैं। प्रशासन ने शाम को भी दो घंटे की ढील देने की घोषणा की है। मध्य प्रदेश के खरगौन शहर में 10 अप्रैल को रामनवमी की रात पथराव के बाद सांप्रदायिक हिंसा के चलते पूरे शहर में कर्फ्यू लगा है। दूसरे दिन शुक्रवार को भी सुबह दो घंटे की ढील दी गई है। यह छूट महिला-पुरुष दोनों के लिए रहेगी। लोगों सब्जी, फल, दूध, किराना, मेडिकल, इलेक्ट्रिक रिपेयरिंग, मिठाई और नमकीन की दुकान खोल सकेंगे। छूट के दौरान पुलिस का सख्त पहरा रहेगा। शुक्रवार को भी सुबह 10 से 12 बजे तक कर्फ्यू में ढील दी गई है। इस दौरान किसी वाहन को नहीं निकलने दिया गया। लोगों को जरूरत का सामान खरीदने के लिए बाजार पैदल ही जाना पड़ा। सुबह 10 से 12 बजे तक छूट के दौरान बाजार में सामान लेने वालों की भीड़ नजर आई। प्रशासन की सूचना के अनुसार इसी तरह शाम को भी कर्फ्यू में दो घंटे की ढील रहेगी। इस दौरान दुकानें खोली जा सकेंगी और लोग जरूरी सामान की खरीदारी कर सकेंगे। दुकानों को छोड़कर दूसरे स्थानों पर पांच या इससे ज्यादा लोग जमा नहीं हो सकेंगे। धार्मिक स्थल नहीं खुलेंगे। वहीं, जुमे की नमाज भी घर में ही होगी। गुड फ्राइडे पर चर्च भी बंद हैं। शनिवार को हनुमान जयंती पर मंदिर भी बंद रहेंगे। इससे पहले गुरुवार को भी शहर में सुबह 10 से 12 बजे और शाम को 5 से 7 बजे तक कर्फ्यू में ढील दी गई थी। यह ढील केवल महिलाओं के लिए थी। महिलाओं ने घर में आवश्यक सामान की खरीदारी की और निश्चित समय पर सभी लोगों ने कर्फ्यू के नियमों का पालन किया। इस दौरान शहर का माहौल शांतिपूर्ण रहा। कलेक्टर अनुग्रहा पी ने बताया कि शहर में अब हालात सामान्य हो रहे हैं, लेकिन अफवाहों से पुलिस की परेशानी बढ़ गई है। गुरुवार को भी अफवाह फैल गई कि आनंद नगर कालोनी में पत्थरबाजी हो गई है। खबर मिलते ही पुलिस और प्रशासन के अधिकारी आनंद नगर क्षेत्र में पहुंच गए, लेकिन यहां पर ऐसा कुछ नहीं मिला। पुलिस ने इस दौरान कुछ युवकों को संदिग्ध अवस्था में घूमते पकड़ा है। खरगौन हिंसा के मामले में अब तक 148 उपद्रवियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। उल्लेखनीय है कि रामनवमी के दिन शोभायात्रा पर पथराव के बाद सांप्रदायिक हिंसा फैल गई थी। इसके बाद लोग काफी सहमे हुए हैं। हालांकि, कलेक्टर के लोगों के समझाने के बाद लोगों को थोड़ी राहत जरूर मिली है लेकिन अभी अफवाहें लोगों को डरा रही हैं। ऐसे में कुछ लोगों के पयालन की कोशिश हो रही हैं। कलेक्टर-एसपी लगातार क्षेत्रों का भ्रमण कर लोगों को समझा रहे हैं और उन्हें सुरक्षा प्रदान करने का आश्वासन दे रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 April 2022

Khargone ,Violence, two hours relaxation , curfew for women

खरगौन। रामनवमी के दिन यहां सांप्रदायिक हिंसा होने के बाद लगे कर्फ्यू में गुरुवार को दो घंटे के लिए ढील केवल महिलाओं के लिए दी गई है। गुरुवार को कलेक्टर अनुग्रहा पी. ने बताया कि सुबह 10 बजे से 12 बजे तक दूध, सब्जी, किराना, उचित मूल्य की दुकान और दवाई की दुकानें खुली रहेंगी। गैस एजेंसियां इस दौरान गैस का सिलेंडर का वितरण कर सकेंगी। उचित मूल्य की दुकान से केरोसीन का वितरण नहीं होगा। उन्होंने बताया कि कर्फ्यू में यह छूट सिर्फ महिलाओं के लिए है और इस अवधि के बाद किसी के भी घर से बाहर मिलने पर उस पर कार्रवाई की जाएगी। इस अवधि में केवल मेडिकल आवश्यकता के लिए ही वाहन का उपयोग करने को कहा गया है। नागरिक अपने नजदीकी किराना दुकान से ही समान खरीदें। कलेक्टर ने हिंसा से भयभीत लोगों को समझाइश देते हुए कहा है कि यह शहर आपका है। शांति-व्यवस्था कायम रखना प्रशासन की जिम्मेदारी है। आप सुरक्षित हैं। बदमाशों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस चौकियां खोली जाएंगी। पुलिस जवान तैनात रहेंगे। मकानों की दीवारों पर हेल्पलाइन नंबर लिखवाए जाएंगे और हर मोहल्ले से दो-दो लोगों की सूची बनाकर वास्तविक स्थिति की जानकारी ली जाएगी। खरगौन शहर में चार दिन से जगह-जगह पुलिस बल तैनात है और कर्फ्यू के दौरान लोगों को घरों से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है। गुरुवार सुबह दो घंटे के लिए महिलाओं को कर्फ्यू में के दौरान आवश्यक सामान की खरीदी की। उल्लेखनीय है कि रविवार को रामनवमी के दिन शोभायात्रा के दौरान संजय नगर क्षेत्र में पथराव और आगजनी की घटनाएं हुई थीं। इसके बाद शहर में सांप्रदायिक हिंसा फैल गई थी, जिसके चलते शहर में कर्फ्यू लगाना पड़ा था। हिंसा मामले में अब तक 101 आरोपितों को गिरफ्तार करने के बाद इनमें से 89 को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है। जिला प्रशासन ने अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करते हुए उपद्रवियों के 50 से अधिक मकान-दुकानों पर बुलडोजर चलाकर उन्हें जमींदोज कर दिया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 April 2022

Khargone, Stone pelting again, midnight amid curfew

खरगोन। खरगोन शहर में बीते तीन दिन से कर्फ्यू जारी है। मंगलवार को दिनभर शांति रहने के बाद कर्फ्यू के दौरान ही रात करीब 12:30 बजे पथराव शुरू हो जाने के कारण फिर तनाव की स्थिति बन गई। इसके बाद संबंधित क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कर्फ्यू के बीच मंगलवार को पूरे दिन शहर में शांति रही और उपद्रवियों के अवैध कब्जों पर प्रशासन की कार्रवाई चलती रही। लेकिन देर रात करीब 12.30 बजे तालाब चौक से गोशाला जाने वाले मार्ग पर फिर पथराव की घटना हो गई, जिसके कारण तनाव फैल गया। जैसे ही इसकी सूचना मिली, भारी पुलिस बल के साथ प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और स्थिति को काबू में किया। इस घटना के बाद क्षेत्र में पुलिस बल की तैनाती बढ़ाई गई है। गौरतलब है कि खरगोन हिंसा के मामले में पुलिस ने अब तक 95 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया है। इनमें से 83 को जेल भेज दिया गया, वहीं छह नाबालिग अपचारियों को न्यायालय में पेश किया गया। शहर में लगे कर्फ्यू में कोई छूट नहीं दी गई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 April 2022

khargon.,Bulldozers ran , houses of those accused

खरगौन। मध्य प्रदेश के खरगौन जिला मुख्यालय पर रविवार शाम को रामनवमी के जुलूस पर पथराव के मामले में अब तक 84 लोगों को गिरफ्तार किये जा चुके हैं। प्रशासन ने नगर के तलैया चौक इलाके के आरोपितों के घरों पर बुलडोजर चलाकर जमींदोज करने की कार्रवाई चल रही है। की घटना के बाद पूरे शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है। पूरे शहर में पुलिस बल और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल तैनात किया गया है। इस मामले में सोमवार को दोपहर तक 84 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।सोमवार को डीआईजी तिलक सिंह ने एसपी के पैर में गोली लगने की पुष्टि भी की है। वह खतरे के बाहर हैं। रातभर चली कार्रवाई में पुलिस ने कुल 84 लोगों को गिरफ्तार किया है। डीआईजी ने बताया कि 25 स्थानों पर आगजनी की घटना हुई है, वहीं कुल 27 लोग घायल हुए हैं। खरगोन में हालात पर नियंत्रण के करने के लिए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की टुकड़ियां तैनात की गई हैं। उन्होंने बताया कि खरगोन तालाब चौक में आरोपितों को घरों को खाली करा लिया गया है और उन्हें पोकलेन मशीनों को माध्यम से ढहाने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।     उल्लेखनीय है कि रामनवमी के दिन रविवार को शाम करीब 5.30 बजे श्रीराम शोभायात्रा पर लोगों ने पथराव शुरू हो गया। उपद्रवियों के ताबड़तोड़ पत्थर बरसाने से यहां पर भगदड़ मच गई। पुलिस ने हालात काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और हवाई फायर भी किए। इसके बाद जुलूस भी स्थगित कर दिया। हालात बिगड़ते देखकर कलेक्टर अनुग्रहा पी भी मौके पर पहुंच गईं और 6.37 बजे प्रभावित क्षेत्र में कर्फ्यू लगाने की घोषणा कर दी। इस घटना के बाद 6.30 बजे भाटवाड़ी, सराफा व भावसार मोहल्ला के मकानों में आग लगाने के अलावा धार्मिक स्थल में आग लगा दी। तीन से ज्यादा दुकानें जला दी गई थीं। शोभायात्रा पर पथराव के बाद रातभर शहर में कई स्थानों पर आगजनी व पथराव की घटनाएं हुईं। पथराव की घटनाओं में खरगौन एसपी सिद्धार्थ चौधरी और थाना प्रभारी बनवारी मंडलोई सहित करीब आठ पुलिसकर्मी घायल हुए। खरगोन शहर में परीक्षाएं स्थगित खरगोन शहर के स्कूलों में होने वाली आठवीं कक्षा व महाविद्यालयीन स्नातक और स्नातकोत्तर की परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया है। इन परीक्षाओं के आयोजन की तिथियां बाद में घोषित की जाएगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 April 2022

 Shivraj Singh Chauhan

दिग्विजय बिजली ,किसान पर धरना देने की नौटंकी कर रहे 15 महीने की सरकार में कांग्रेस ने प्रदेश को तबाह किया   मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने खरगोन जिले के झिरन्या में विद्युत उपकेंद्रों का भूमिपूजन और लोकार्पण किया इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा | शिवराज ने कहा दिग्विजय सिंह के समय में प्रदेश में बिजली ही नहीं रहती थी | लेकिन वो आज बिजली को लेकर धरने पर बैठने की नौटंकी कर रहे हैं  |  वहीं कमलनाथ की पंद्रह महीने की सरकार ने प्रदेश को तबाह कर दिया  |  खरगोन में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संबल अनुग्रह राशि का वितरण किया |  उन्होंने  29 विद्युत उपकेंद्रों का भूमिपूजन व लोकार्पण किया |  इस दौरान शिवराज ने कहा की कोविड नियंत्रित है  |  लेकिन हमें अभी भी सावधान रहना है |  टीकाकरण करवाकर अपनी और अपनों की जिंदगी सुरक्षित करना है |  शिवराज ने कहा कि मैं जहां जाता हूं उसके पहले कमलनाथ ट्वीट करते हैं |  वो ट्विटर मास्टर हैं, पर जरा जमीन पर उतरकर तो देखें |  पंद्रह महीने में इन्होने प्रदेश को खा लिया  | शिवराज ने कहा दिग्विजय सिंह आज धरने में बैठने की नौटंकी करते हैं |  लेकिन उनके समय में प्रदेश में बिजली ही नहीं थी  | लोग नारे लगाते थे- जब तक रहेंगे दिग्गी- जलती रहेगी डिब्बी | ये किसानो के लिए धरने पर बैठे हैं  | दिग्विजय बताएं  बैतूल में किसानों को किसने गोलियों से भुनवाया था..मध्यप्रदेश में हमने विद्युत अधोसंरचना के विकास पर 16 वर्षों में लगभग 01 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया है  | झिरनिया में 1400 करोड़ लगाकर पानी लाएंगे | . दिग्गी राजा तो कहते थे - अरे कैसे नर्मदा से पानी आएगा, हमने लाकर दिखा दिया | 21 हजार  करोड़ रुपए की सब्सिडी हमारी सरकार बिजली पर देती है | तब जाकर पानी आपके खेतों में पहुंचता है  |  शिवराज ने कहा आदिवासियों के बैकलॉग पद भरे जाएंगे  |  1 लाख पदों पर हम भर्ती कर रहे हैं |  उन्होंने बताया की  संबल योजना में गर्भवती बहनों को रु.16 हजार और आकस्मिक निधन पर 4 लाख व सामान्य मृत्यु पर 2 लाख सहायता राशि मिलती थी  |  कांग्रेस ने योजना को ही बंद कर दिया था | सरकार बनते ही हमने फिर  योजना शुरू की  |  और  हितग्राहियों के खाते में पैसा जमा किया गया  |  कांग्रेस ने पेसा एक्ट को लेकर मूर्ख बनाया  | तब  कुछ लोग  आंदोलन करके विधायक बन गए  |   विधायक बनकर 15 महीने में आदिवासियों को एक  धेला  नही दिया  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 September 2021

 Kamal Patel

कमल पटेल :किसानों के साथ ठगी बर्दाश्त नहीं होगी     किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने खरगोन के  मर्दलिया में नवीन मिर्ची मंडी का  लोकार्पण किया  | इस दौरान उन्होंने कहा की | किसानों के साथ धोखाधड़ी किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी  | खरगोन जिले में सुशासन स्थापित किया जाएगा  |  बेईमान दंडित होंगे और ईमानदार पुरस्कृत किये जायेंगे  | उन्होंने कहा  नर्मदा के आंचल को छलनी करने वाले जेल की हवा खाएंगे  | समारोह को संबोधित करते उन्होंने  कहा 5 करोड़ रुपए की राशि से मिर्ची मंडी का और अधिक विस्तार करने की बात कही  |  कृषि कमल  पटेल ने कहा कि बेड़िया से मिर्ची मंडी तक जल्दी पहुंचने के लिए नहर की सड़क को विकसित किया जाएगा  |  उन्होंने  किसानों से आव्हान किया कि मंडी के अंदर ही अपनी उपज का विक्रय करें  | यदि मंडी के भीतर किसान अपनी उपज विक्रय करेंगे तो उनके भुगतान की पूरी जिम्मेदारी कृषि उपज मंडी और कृषि विभाग की होगी  | किसी भी किसान को ठगी का शिकार नहीं होने दिया जाएगा  |  उन्होंने कहा कि मिर्ची मंडी का नाम ठाकुर नंदकुमार सिंह चौहान के नाम पर रखा जायेगा  | कमल पटेल  ने कहा कि खरगोन जिले में सुशासन को स्थापित करने के लिए सभी आवश्यक कार्यवाही की जाएगी |   इसमें किसी प्रकार की लेटलतीफी बर्दाश्त नहीं होगी  | गड़बड़ी करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी |  कमल पटेल ने  कहा नर्मदा में प्रोकलेन मशीनों से रेत का उत्खनन नहीं होने दिया जाएगा  |   किसी भी ग्राम में अवैध शराब,सट्टा, जुआं नहींचलने देंगे |   बेईमान और निकम्मे अधिकारियों ,कर्मचारियों को दंडित करेंगे और ईमानदार लोगों को पुरस्कृत किया जाएगा  |   इस मौके पर बड़वाह विधायक  सचिन बिरला ने  कृषि मंत्री के द्वारा किसानों के हित में किए जा रहे कार्यो की सराहना की  .|  उन्होंने कहा कि सनावद मंडी में व्यापारी द्वारा  ठगी के शिकार किसानों को कृषि मंत्री कमल  पटेल के प्रयासों से ही चार करोड़ 82 लाख रुपया वापस मिला |  कार्यक्रम के दौरान सांसद और स्तानीय नेता भी मौजूद रहे  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 July 2021

 ANHUTHI SADHI

संविधान की शपथ लेकर विवाह शुत्र में बंधे वर-वधू   मिंया बीवी राजी तो क्या करेगा काजी  | बिन फेरे हम तेरे |  ये सब किसी फिल्म के डायलॉग जरूर हो सकते हैं  |  मगर यह हकीकत हैं |  हम आपको एक ऐसी शादी के बारे में बता रहे हैं  |  जिसमे वर-बधू ने अग्नि को साक्षी मान कर फेरे नहीं लिए   | बल्कि अपने नए जीवन की शुरुआत भारत के संविधान को साक्षी मानकर  | एक दूसरे का साथ देने का वचन लिया और शपथ ग्रहण की  | अब इस अनूठी शादी का वीडियो वायरल हो रहा हैं  |  और लोग वर-वधु के इस कदम की तारीफ भी कर रहे हैं  |  सभी अपनी शादी को यादगार बनाने के लिए कुछ हट कर करते हैं  | ऐसी ही एक अनूठी शादी के बारे में हम आपको बता रहे हैं  |  दरअसल शादी एक ऐसा शब्द हैं जिसका नाम सुनते ही हमे मंगलसूत्र, अग्नि फेरे याद आ जाते हैं   | लेकिन यंहा शादी में ऐसा कुछ नहीं है  .|  खरगोन में एक अनूठी शादी देखने को मिली जो शायद देश मे पहली शादी होगी जिसमें अग्नि को साक्षी मानकर वर-वधू ने फिरे नहीं लिए  |  बल्कि भारत के संविधान को साक्षी मानकर एक दूसरे का साथ देने का वचन लिया और शपथ ग्रहण की  |  दरअसल मामला कुछ यूं है कि कसरावद निवासी वज्र कलमें व खरगोन निवासी अंजलि रोकड़े विवाह बंधन में बंधे जिसमें उन्होंने भारत के संविधान की शपथ ली और एक दूसरे का सात जन्म तक साथ देने का वादा किया  |  वर वधु का मानना है  .| कि समाज में लेन-देन जैसी प्रथा व फालतू खर्चा  | कुरीतियां फैली हुई है  | जिन्हें बंद होना चाहिए और इस तरह की शादी कर फिजूल खर्च बचाना चाहिए जो कि किसी नेक कार्य में लगाया जा सके   |  समाजसेवी रामेश्वर बडोले का मानना है कि  |  कलमें परिवार व रोकड़े परिवार द्वारा एक अच्छी पहल की गई है जिससे कि समाज में एक नया संदेश जाएगा  |  कलमें परिवार द्वारा पहले भी समाज में नया संदेश देते हुए उनके पिताजी की मृत्यु होने पर देह मेडिकल कॉलेज को दान की गई थी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 December 2019

 ACCIDENT

TI को फायर ब्रिगेड ने मारी टक्कर   खरगोन में कसरावद मार्ग पर सोमवार को एक टैंकर आग की चपेट में आ गया  | आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन जैसे ही आग की लपटों ने विकराल रूप धारण किया तो ड्राइवर व अन्य लोग टैंकर को छोड़कर भागे  | आग पर काबू करने के लिए पहुंची फायर ब्रिगेड ने घटनास्थल पर पहुंचे मेनगांव टीआई को टक्कर मार दी, जिससे उनके पैर में चोट आ गई  |  कसरावद मार्ग पर इंद्र टेकड़ी के पास  चलते टैंकर में अचानक आग लग गई  |  रोड पर अचानक ऐसा हादसा देखकर तो लोग भी सहम गए और आग बुझाने का प्रयास करने लगे   लेकिन जैसे ही आग की लपटों ने विकराल रूप धारण किया तो ड्राइवर व अन्य लोग टैंकर को छोड़कर भागे और तत्काल फायर ब्रिगेड को भी सूचित किया  |  इस दौरान सड़क के दोनों ओर करीब एक किलोमीटर का लंबा जाम लग गया  | आग लगने के कारणों के बारे में अभी जानकारी नहीं मिली है, लेकिन शार्ट सर्किट के कारण आग लगने की आशंका जताई जा रही है  |  टैंकर में लगी आग  पर  फायर ब्रिगेड ने बड़ी मुश्किल से काबू पाया  |   इसी बीच आग पर काबू करने के लिए पहुंची फायर ब्रिगेड ने सुरक्षा के लिहाज के घटनास्थल पर पहुंचे मेनगांव टीआई को टक्कर मार दी, जिससे उनके पैर में चोट आ गई  |  इसके बाद डायल-100 से तत्काल उन्हें उपचार के लिए भेजा गया   |  घायल टीआई का इलाज जारी है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 December 2019

 SACHIN YADAV

अरुण यादव ने सड़क पर दौड़ाई बैलगाड़ी   दशहरे पर अलग अलग इलाकों में अलग-अलग रंग देखने को मिले  | कसरावद में पूर्व केंद्रीय मंत्री और अरुण यादव और एमपी के कृषि मंत्री सचिन यादव  बैलगाड़ी में घूमते नजर आये  |  पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव एवं कृषि मंत्री सचिन यादव दशहरे पर अपने ही अंदाज में नजर आए | अरुण यादव दशहरा समारोह में जाने के लिए पारम्परिक वहान बैलगाड़ी का सहारा लिया   | उनके पीछे कुछ और बैलगाड़ी चल रही थीं  |  जिनमे से एक पर कृषि मंत्री सचिन यादव  भी बैठे नजर आये  |  इसके बाद अरुण यादव ने सड़क पर जमकर बैलगाड़ी दौड़ाई  | अरुण और सचिन यादव अपने गृह ग्राम बोरावा के ग्रामीणों के साथ दशहरा पर  बैलगाड़ी से जाते हैं    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  9 October 2019

 DHARA 144 SELFIE

किशोरी के डूबने के बाद लिया फैसला  पर्यटन स्थलों पर सेल्फी लेने पर 144    खरगोन कलेक्टर गोपालचंद्र डाड ने पर्यटन स्थलों पर सेल्फी लेने पर धारा 144 लगाई है  | जिले में स्थित झरने, प्रमुख घाट, नदी, पुल के पास सेल्फी लेने वालों के खिलाफ धारा अब 144 के तहत कार्रवाई होगी   | सेल्फी के चक्कर में एक लड़की के नर्मदा में डूब जाने के बाद यह फैसला लिया गया  |  खरगौन  जिले में स्थित झरने, प्रमुख घाट, नदी, पुल के पास सेल्फी लेने वालों के खिलाफ धारा अब 144 के तहत कार्रवाई होगी  |  मंडलेश्वर नर्मदा पुल पर  अपने भाई के साथ युवती वंदना यादव 15 नर्मदा का पूजन कर मछलियों को चने डालने वाली थी |  इसके लिए वो रैलिंग पर चढ़ी  |  भाई अपने मोबाइल से उसकी तस्वीर खींची और कुछ ही पल में बहन एक झोंके से साथ उफनती नर्मदा में संमा गई  |  इसके कुछ दिन पहले  भी इसी पुल से रुपाली पटेल भी पुल से नर्मदा नदी में गिरी थी  | दोनों की सर्चिंग की जा रही है  |  इन घटनाओं के मद्देनजर  गुरुवार को कलेक्टर डाड ने जिले के सभी प्रमुख घाट, झरनों और जोखिम भरे सभी स्थानों पर सेल्फी लेने वाले के खिलाफ धारा 144 के तहत कार्रवाई के निर्देश जारी किए हैं |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 August 2019

 RISVAT

मकान का नक्शा और टैक्स नहीं भरने मांगे थे पैसे     लोकायुक्त पुलिस  ने श्रम पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारी  को पांच हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार किया  अधिकारी  मकान का नक्शा और टैक्स नहीं भरने के बदले सात हजार की रिश्वत की मांग कर रहा था   खरगोन में  लोकायुक्त पुलिस इंदौर ने  श्रम पदाधिकारी कार्यालय के सहायक ग्रेड 2 नारायण ब्राह्मणे को पांच हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथों  गिरफ्तार किया है    गिरफ्तार करने के बाद  पुलिस के द्वारा  आरोपी को कार्रवाई के लिए सर्किट हाउस ले जाया गया   कर्मचारी ने  फरियादी जयनारायण गुप्ता से मकान का नक्शा और टैक्स नहीं भरने के बदले सात हजार की रिश्वत मांग की थी  जिसके बाद फरियादी की शिकायत पर  कार्रवाई करते हुए अधिकारी को  पांच हजार रुपए लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया गया   लोकायुक्त डीएसपी प्रवीणसिंह बघेल की टीम ने  इस कार्रवाई को अंजाम दिया   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 August 2019

anandiben patel

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने आज खरगोन में केन्द्र सरकार की योजना से लाभान्वित हितग्राहियों से मुलाकात कर चर्चा की। राज्यपाल श्रीमती पटेल ने मुद्रा योजना से लाभान्वित हुई महिलाओं से जाना कि मुद्रा योजना की कैसे जानकारी मिली और ऋण राशि किस तरह से मिली। राज्यपाल ने लाभान्वित हितग्राहियों से यह भी जाना कि उन्होंने अपने व्यवसाय से कितने लोगों को रोजगार उपलब्ध करवाया है। राज्यपाल श्रीमती पटेल को जिले के जैतापुर की संगीता ने बताया कि उन्हें मुद्रा योजना की जानकारी टेलीविजन से पता लगी थी। बैंक में सम्पर्क करने के बाद उन्हें मुद्रा योजना में 50 हजार की राशि मंजूर हुई। आज वे इस राशि से सिलाई केन्द्र चला रही हैं और इस केन्द्र के माध्यम से 3 परिवारों को रोजगार दे रही है। राज्यपाल ने योजना से लाभान्वित गजेन्द्र गुप्ता, रानी, सुभद्रा, लीलाबाई, अनिल और शिवराम से भी चर्चा की। राज्यपाल ने उज्जवला, सौभाग्य और प्रधानमंत्री आवास योजना से लाभान्वित हितग्राहियों से भी चर्चा की। राज्यपाल श्रीमती पटेल ने रसोई गैस सिलेण्डर मिलने की व्यवस्था के बारे में भी जानकारी ली। हितग्राहियों ने बताया कि लकड़ी की तुलना में रसोई गैस की टंकी सस्ती है। लकड़ी जलाने से होने वाले दुष्प्रभाव से भी उन्हें छुटकारा मिला है। राज्यपाल श्रीमती पटेल ने आज सेगाँव विकासखण्ड के ग्राम ऊन में आँगनवाड़ी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र और बालक छात्रावास का निरीक्षण किया। राज्यपाल ने आँगनवाड़ी के बच्चों को फल वितरित किये। उन्होंने गर्भवती माताओं से चर्चा कर आँगनवाड़ी व्यवस्था के बारे में जानकारी ली। राज्यपाल ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में मरीजों से स्वास्थ्य की जानकारी ली। बालक छात्रावास पहुँचने पर स्कूल के छात्रों ने राज्यपाल का स्वागत किया। उन्होंने बच्चों को फल भी वितरित किये।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 July 2018

सीएम शिवराज सिंह चौहान भीकनगांव

  असं‍गठित श्रमिक सम्मेलन में सीएम शिवराज सिंह चौहान भीकनगांव पहुंचे। यहां मौजूद लोगों ने उन्होंने कहा कि अमीरी और गरीबी का फासला खत्म होना चाहिए। मजदूर जरूर हो पर मजबूर नहीं। उन्होंने कहा कि हमने सभी तबकों का ख्याल रखा है। कपास पर टैक्स एक प्रतिशत कम कर दिया गया है। गरीब बच्चों को भी मुस्कुराने का हक है। सीएम ने इस दौरान कहा कि कांग्रेस प्रदेश को हिंसा की आग में झोंकना चाहती है, मध्यप्रदेश शांति का टापू है। कुछ बड़े लोग जाति के नाम पर झगड़ा करवाना चाहते हैं, सभी एकजुट रहें। कांग्रेस सरकार सिर्फ गरीब-गरीब करती थी, लेकिन गरीबों के लिए कुछ नहीं किया। सीएम ने कहा कि सभी को रहने के लिए जमीन का टुकड़ा चाहिए। प्रदेश में कोई भी गरीब बिना जमीन के टुकड़े के नहीं रहेगा। सब इस जमीन के हकदार हैं, इसका कानून हमने बना दिया। खरगोन जिले में एक लाख लोग आवास के मालिक होंगे। 2006 से हकदार लोगों को वन अधिकार पट्टे वितरित होंगे। सीएम ने कहा कि बिजली के पुराने बिल खुद की जेब से भर लूंगा, गरीबों को भारी भरकम बिल नहीं भरने देंगे। गर्भवती महिला को चार हजार रुपए दिए जाएंगे, जिससे उसे पौष्टिक भोजन मिले। सभी महिलाओं की अस्पताल में ही डिलेवरी हो। यह फायदा 2 डिलीवरी तक मिलेगा, जनता से पूछकर सीएम ने यह एलान किया। उन्होंने कहा कि एक करोड़ 92 लाख असंगठित श्रमिकों के पंजीयन हो चुके हैं। श्रमिक खुद फार्म भरेंगे और उसकी दी गई सभी जानकारियां सही मानी जाएंगी।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 April 2018

पुरातात्विक उत्‍खनन

पुरातत्व विभाग के श्रीधर वाकणकर पुरातत्व शोध संस्थान द्वारा खरगोन जिले के मेहताखेड़ी जो नर्मदा घाटी में तहसील बड़वाह में पुरातात्विक उत्‍खनन से बेशकीमती 50 हजार वर्ष प्राचीन 350 पुरावशेष मिले हैं। दक्षिण कोरिया के प्रोफेसर डॉ. किडॉग ने उत्खनन स्थल का भ्रमण किया। उन्होंने यहाँ उत्खनन से बेहतर निष्कर्ष प्राप्त होने का दावा किया है। पुरातत्व आयुक्त श्री अनुपम राजन ने बताया कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण नई दिल्ली से वर्ष 2017 के जनवरी माह में अनुमति प्राप्त होने के बाद देश की प्रसिद्ध पुरातत्वविद्, डेक्कन कॉलेज पूना की पूर्व विभागाध्यक्ष प्रोफेसर शीला मिश्रा के नेतृत्व में उत्खनन दल का गठन किया गया। संस्थान की और से शोध अधिकारी डॉ. जिनेन्द्र जैन, शोध सहायक डॉ. ध्रुवेन्द्र सिंह जोधा एवं डेक्कन कॉलेज के शोधार्थी डॉ. नीतू अग्रवाल, नम्रता विश्वास और गरिमा खन्सीली को यह जिम्मेदारी सौंपी गई। श्री राजन ने बताया कि प्रोफेसर शीला मिश्रा एवं गठित दल ने फरवरी के द्वितीय सप्ताह में उत्खनन का कार्य शुरू किया। एक पखवाड़े में ही ट्रेन्च क्रमांक 1 से 200 एवं ट्रेन्च क्रमांक 2 से 150 पुरावशेष मिल चुके हैं। इनका विश्लेषण कर निष्कर्ष निकाले जायेंगे। इस तरह के उत्खनन में भू-गर्भीय जमाव, पुरा-भौगोलिक विश्लेषण और उपकरण प्रारूप के आधार पर मानव सभ्यता के विकास का अध्ययन किया जाता है। उत्खनन में प्राप्त मिट्टी को घोल कर व छान कर सूक्ष्म अवशेषों को खोजने का काम किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि प्रो. शीला मिश्रा ने वर्ष 2009 में कराये गये उत्खनन से आधुनिक मानव से संबंधित अवशेष शुतुरमुर्ग के अंडे के टुकड़े प्राप्त किये थे। इन माइक्रो-ब्लेड की तिथि फिजिकल रिसर्च लेबोरेट्री अहमदाबाद के प्रो. सिंघवी द्वारा 50 हजार वर्ष पुरानी आँकी गई है। शुतुरमुर्ग के अंडे की कार्बन तिथि 42 हजार से अधिक पहले की प्रमाणित हुई है। माइक्रोलिथ यह औजार एवं उपकरण जिनका उपयोग प्रागैतिहासिक मानव द्वारा शिकार और उसके बाद के कार्य में लकड़ी और हड्डी में लगाकर किया जाता था। पुरातत्व आयुक्त श्री राजन ने बताया कि हाल ही में किए गए पुरातत्वीय और जैवकीय अनुसंधानों के निष्कर्ष से सिद्ध होता है कि आज का मानव अनेक विभिन्नताओं के बावजूद एक लाख वर्ष पहले के दक्षिण अफ्रीका से प्रसारित समूहों से संबंध रखता है। मेहताखेड़ी क्षेत्र का मानव 50 हजार साल पहले अफ्रीका से विश्व में फैले मानव समूह से संबंधित है। श्री राजन ने बताया कि मेहताखेड़ी से मिले प्राचीनतम पुरावशेष प्रमाणित करते हैं कि प्रदेश में प्राचीन, दुर्लभ ऐतिहासिक सामग्री प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 March 2017

shivraj singh

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि अब मध्यप्रदेश के प्रतिभाशाली बच्चों का आगे बढ़ने का सपना हर हाल में पूरा होगा। इसके लिए राज्य सरकार ने 500 करोड़ रूपए का कोष तैयार किया है। मुख्यमंत्री  चौहान को 'नमामि देवि नर्मदे'-सेवा यात्रा में बड़वाह में जन-संवाद को संबोधित कर रहे थे। श्री चौहान ने कहा कि यात्रा के जरिए विकास के कई उद्देश्यों को पूरा किया जाएगा। श्री चौहान ने नागरिकों को नर्मदा नदी को स्वच्छ रखने का हाथ उठाकर संकल्प दिलाया। इस मौके पर प्रसिद्व गजल गायिका सुश्री पिनाज मसानी भी उपस्थित थीं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा नदी मध्यप्रदेश की जीवन रेखा है। इसके प्रवाह को हर हाल में अविरल रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा दुनिया की सबसे बड़ी यात्रा हो गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि माँ नर्मदा का प्रदेशवासियों पर बड़ा ऋण है। नर्मदा नदी से प्रदेशवासियों को बिजली, पीने का पानी और खेतों के लिए पानी मिलता है। नर्मदा के जल से ही मध्यप्रदेश कृषि के क्षेत्र में देश में अग्रणी राज्य के रूप में उभरकर सामने आया है। प्रदेश को 4 बार लगातार कृषि कर्मण अवार्ड मिला है। मध्यप्रदेश की कृषि विकास दर लगातार कई वर्षों से 20 प्रतिशत से अधिक बनी हुई है। श्री चौहान ने किसानों से अपने खेतों में आगे आकर फलदार वृक्ष लगाने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसानों को पेड़ लगाने के लिए पर्याप्त राशि दी जाएगी। उनमें लगने वाले फलों के विपणन की उचित व्यवस्था की जाएगी और नर्मदा नदी के किनारे की सरकारी जमीन पर जन-भागीदारी से पेड़ लगाए जाएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान कहा कि नर्मदा के किनारे के तटों पर ट्रीटमेंट प्लांट लगाए जाएंगे। मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए मुक्तिधाम बनाए जाएंगे। श्री चौहान ने ग्रामीणों से कहा कि वे पूजन सामग्री को नर्मदा नदी में न मिलने दें। उन्होंने कहा कि जो महिलाएँ नर्मदा नदी में आस्था के साथ स्नान करने जाती हैं, तो उनकी मर्यादा की रक्षा के लिए चेंजिंग रूम बनाए जाएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महिलाओं की इज्जत के साथ खिलवाड़ करने वाले दुराचारी को मृत्यु दंड मिलना चाहिए, इसका प्रस्ताव राज्य सरकार केंद्र सरकार को भेजेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा के जरिए प्रदेश भर में नशामुक्ति का अभियान भी चलाया जाएगा। श्री चौहान ने कहा कि 01 अप्रैल से नर्मदा तटों से 5 किमी की सीमा में शराब की दुकान बंद की जाएगी। बेटियों के महत्व की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने बेटियों के कल्याण के लिए लाड़ली लक्ष्मी, मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना और गाँव की बेटी योजना बनाई है। श्री चौहान ने नागरिकों से बेटा और बेटी में भेदभाव न करने की भी समझाईश दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभा स्थल पर पहुँचने पर नर्मदा कलश एवं कन्याओं की पूजा की। अंत में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उपस्थित जन-समुदाय के साथ नर्मदा जी की महाआरती की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश देशभर में शांति के टापू के रूप में पहचाना जाता है। प्रदेश की जनता के साथ खिलवाड़ करने वाले अथवा शांति व्यवस्था को प्रभावित करने वाले किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। कानून-व्यवस्था प्रदेश की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है। श्री चौहान ने सुश्री पिनाज मसानी द्वारा नर्मदा गीतों पर बनाये गये एलबम का विमोचन किया। कार्यक्रम को श्रीराम राजेश्वराचार्य माउली सरकार एवं विधायक श्री हितेंद्रसिंह सोलंकी ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर सांसद श्री सुभाष पटेल, विधायक श्री बालकृष्ण पाटीदार, साधु-संत, गणमान्य नागरिक सहित बड़ी संख्या में आम नागरिक उपस्थित थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 March 2017

महेश्वर-मंडलेश्वर

'नमामि देवि नर्मदे''-सेवा यात्रा मंडलेश्वर के समीप के गाँवों में पहुँची। पहले महेश्वर और आज मंडलेश्वर के गाँव जलूद, छोटी खरगोन, धरगाँव, नांद्रा, कतरगाँव, कोगाँवा, पिपल्या बुजुर्ग और बरलाय में यात्रा का अभूतपूर्व स्वागत हुआ। इन गाँवों में नर्मदा संरक्षण के इस अभियान में अपनी भागीदारी के लिए जन-सैलाब घरों से बाहर निकल आया। बड़ी संख्या में महिलाओं की मौजूदगी नर्मदा संरक्षण के प्रति उनकी गहरी आस्था और विश्वास को प्रकट कर रही थी। रविवार होने के बावजूद स्कूलों के विद्यार्थियों में उत्साह देखा गया। समाज के सभी वर्ग सेवा यात्रा के मार्ग में स्वागत के लिए मौजूद थे। यात्रा मंडलेश्वर से आज जलूद पहुँची, जहाँ भव्य स्वागत हुआ। नर्मदा कलश और ध्वज का पूजन किया गया तथा नर्मदा सेवा यात्रियों पर फूलों की वर्षा की गई। धरगाँव के हायर सेकेण्डरी स्कूल में नर्मदा की स्तुति के साथ कलश एवं ध्वज का पूजन किया गया। यहाँ विधायक श्री राजकुमार मेव एवं अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष एवं सेवा यात्रा प्रभारी श्री भूपेंद्र आर्य ने ग्रामवासियों को नर्मदा को प्रदूषण से मुक्त रखने का संकल्प दिलवाया। श्री भूपेंद्र आर्य ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा शुरू किए गए इस अभियान की चर्चा अब विश्व में होने लगी है। इसके पहले धरगाँव पहुँचने पर मार्ग के दोनों ओर स्थित निजी प्रतिष्ठानों, दुकानदारों, समाज के विभिन्न वर्ग के प्रतिनिधियों ने पुष्प-वर्षा और हर-हर नर्मदे के उदघोष के साथ सेवा यात्रा का स्वागत किया।नांद्रा गाँव पहुँचने पर बड़ी संख्या में महिलाओं एवं बालिकाओं ने कलश के साथ अगवानी की। धरगाँव और नांद्रा में भारी संख्या में भीड़ उमड़ने से आयोजन स्थल छोटे पड़ गए। श्रीराम मंदिर प्रांगण में हुए कार्यक्रम को श्री राजकुमार मेव एवं श्री भूपेंद्र आर्य ने संबोधित किया। कतरगाँव, कोगाँवा, पिपल्या बुजुर्ग, बरलाय, बंजारी और धारेश्वर में भी आस्था और विश्वास की इस यात्रा के पहुँचने पर स्वागत किया गया। गाँवों की प्रवेश सीमा से लेकर आयोजन स्थल तक हुआ स्वागत किसी उत्सव या त्यौहार से कम नहीं था। फूलों की वर्षा, बैंड-धुन एवं आतिशबाजी के साथ पूरा कस्बा यात्रा के स्वागत में मार्ग के दोनों और मौजूद था। सड़क मार्ग से गुजरने पर यात्रा और नर्मदा भक्त हर वर्ग का ध्यान अपनी ओर खींचने में कामयाब हुए। ग्राम नांद्रा में निमाड़ की वास्तविक पहचान के साथ सेवा यात्रा का परिचय कराया गया। यहाँ ग्रामवासियों ने अमाड़ी की भाजी और मक्का की रोटी के साथ कड़ी, खिचड़ी भोजन का प्रबंध किया था। सेवा यात्रियों और सेवक दोनों ने निमाड़ का पारंपरिक भोजन ग्रहण किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 March 2017

shivraj शौचालय

नर्मदा-स्तुति और संरक्षण की महायात्रा पहुँची महेश्वर मुख्यमंत्री  शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि नर्मदा तटों पर स्थित गाँव के प्रत्येक घर में शौचालय बनना चाहिए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि नर्मदा को प्रदूषण एवं गंदगी से बचाने के लिए तटों के सभी गाँवों में शौचालय निर्माण की ओर विशेष ध्यान दिया जाए। श्री चौहान खरगोन के महेश्वर में अहिल्या घाट पर 'नमामि देवि नर्मदे''-सेवा यात्रा के पहुँचने के बाद जन-संवाद को संबोधित कर रहे थे। इसके पहले मुख्यमंत्री श्री चौहान महेश्वर के जय स्तंभ चौराहे से नर्मदा सेवा यात्रा में शामिल हुए। श्री चौहान ने पुण्य सलिला नर्मदा को मध्यप्रदेश की जीवन रेखा बताया तथा कहा कि नर्मदा हमे जल देकर विकास का मार्ग प्रशस्त करती है। नर्मदा के जल के कारण ही मध्यप्रदेश की कृषि की विकास की दर लगातार 4 साल से 20 प्रतिशत से उपर है। मध्यप्रदेश कृषि और बिजली उत्पादन के मामले में आत्म-निर्भर है। उन्होंने कहा कि नर्मदा मोक्षदायिनी है। हमने नर्मदा से जल तो लिया लेकिन उसे दिया कुछ नही। नर्मदा नदी में जल बना रहे इसके लिए वृक्षारोपण जरूरी है। श्री चौहान ने भक्तों को संकल्प दिलवाया कि नर्मदा के दोनों तट पर वृक्षारोपण कर उसकी देखभाल करे, किसान जो फलदार पौधे लगायेंगे उसमें फल आने तक 3 साल की अवधि के लिए मध्यप्रदेश सरकार 20 हजार रूपए प्रति हेक्टेयर देगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा नदी के किनारों के घरों के सीवेज के पानी के ट्रीटमेंट के लिए ट्रीटमेंट प्लांट लगाए जायेंगे। नर्मदा को प्रदूषित करने वाली सामग्री नर्मदा में विसर्जित नहीं होने दी जायेगी। प्रत्येक तट पर विसर्जन कुंड बनेंगे। श्री चौहान ने कहा कि अंतिम संस्कार के लिए तटों पर मुक्ति-धाम भी बनाए जायेंगे। तटों पर ही महिलाओं के लिए चेजिंग-रूम की व्यवस्था की जाएगी। आगामी 1 अप्रैल से नर्मदा के दोनों तट पर 5-5 किलोमीटर की शराब की दुकाने बंद होगी। मध्यप्रदेश को धीरे-धीरे नशामुक्त बनाया जाएगा। उन्होंने ग्रामीणों से अपने गाँव को नशामुक्त बनाने का संकल्प लेने का आव्हान किया। बेटी बचाओं-बेटी पढ़ाओ की बात करते हुए श्री चौहान ने कहा कि सरकारी नौकरी में महिलाओं को प्राथमिकता देने के साथ ही शिक्षक की भर्ती में 50 प्रतिशत और पुलिस में 33 प्रतिशत भर्ती महिलाओं की होगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ऐसा कानून भी बनाने की बात कही जिसमें बेटी से दुराचार करने वाले अपराधी को फांसी की सजा मिले। श्री चौहान ने कहा कि 12वीं की परीक्षा में 85 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों की उच्च पढ़ाई की फीस राज्य सरकार देगी। मुख्यमंत्री ने उपस्थित नागरिकों को नर्मदा नदी के संरक्षण के प्रति जागरूकता लाने का संकल्प दिलवाया। जन-संवाद को श्री सुभाष पटेल, श्री मुकेश तिवारी, संत भय्यू जी महाराज ने भी संबोधित किया। इसके पहले मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नर्मदा कलश, ध्वज एवं कन्याओं का पूजन किया। साथ ही उन्होंने महेश्वर एवं बड़वाह के 60 गाँव को फ्लोराईड मुक्त जल उपलब्ध करवाने के लिए 69.99 करोड़ की लागत के ट्रीटमेंट प्लांट का लोकार्पण भी किया। उन्होंने तट पर माँ नर्मदा की आरती की। महेश्वर घाट पर हुए निमाड़ उत्सव में जन-जातीय एवं लोक नृत्य, सर्व महेश्वर नृत्य नाटिका की प्रस्तुति तथा सुश्री अलका याज्ञनिक के भजन एवं गीत हुए। जन-संवाद में केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं सहकारिता मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत, स्कूल शिक्षा मंत्री कुं. विजय शाह, महिला-बाल विकास राज्य मंत्री श्रीमती ललिता यादव, सांसदद्वय श्री सुभाष पटेल एवं श्रीमती सावित्री ठाकुर, विधायक सर्वश्री राजकुमार मेव, बालकृष्ण पाटीदार, हितेंद्रसिंह सोलंकी, पूर्व विधायक श्री भूपेंद्र आर्य, आध्यात्मिक संत श्री भय्यू जी महाराज, साध्वी प्रज्ञा भारती, संतगण सर्वश्री शैलेंद्र गिरी, मौनी बाबा, ओमानंद, ईश्वरदास, ज्ञानानंद, मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह, फिल्म कलाकार श्री मुकेश तिवारी एवं रघुवीर यादव, श्री पासा पटेल उपस्थित थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 March 2017

नर्मदा सेवा यात्रा

भारतीय महिला हॉकी टीम शामिल हुई यात्रा में   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि नर्मदा सेवा यात्रा अब तक जिन स्थानों से होकर निकली है, वहाँ सामाजिक सदभाव की अनोखी मिसाल देखने को मिली है। उन्होंने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा राज्य सरकार ने प्रारंभ की है, परन्तु वास्तविक रूप से समाज ने इसका मान बढ़ाया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज खरगोन जिले के कसरावद के नजदीक नावड़ातौड़ी नर्मदा तट पर 'नमामि देवि नर्मदे'-सेवा यात्रा में जन-संवाद को संबोधित कर रहे थे। श्री चौहान सेवा यात्रा के साथ करीब 4 किलोमीटर पैदल भी चले। यात्रा की आज खास बात यह रही कि महिला हॉकी टीम भी मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ थी। यात्रा के जत्थे में करीब 75 हजार भक्त शामिल हुए। इस मौके पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि दुनिया में भारत की बेटियों ने हॉकी के क्षेत्र में मान बढ़ाया है। उन्होंने 2 लाख रूपये की पुरस्कार राशि को बढ़ाते हुए 25 लाख रूपये की राशि पुरस्कार के स्वरूप देने की घोषणा की। सिंगापुर से सोना लाने वाली महिला हॉकी टीम की कप्तान सुश्री सुशीला चानू ने मध्यप्रदेश सरकार के नर्मदा स्वच्छता अभियान की प्रशंसा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा विश्व में नदी संरक्षण के लिये सबसे बड़ी सेवा यात्रा है। सिने अभिनेता अमिताभ बच्चन और स्वर कोकिला लता मंगेशकर ने भी नर्मदा स्वच्छता अभियान का समर्थन किया है। नर्मदा सेवा यात्रा को विदेशों से भी जन-समर्थन मिल रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पेड़ लगाना सरकार का ही नहीं बल्कि समाज का भी दायित्व है। नर्मदा नदी के तट के एक-एक किलोमीटर के दायरे में दोनों तटों पर सरकारी और निजी भूमि पर वृक्षारोपण किया जायेगा। जो किसान अपनी निजी भूमि पर वृक्षरोपण करेगा, उसे तीन वर्ष तक प्रति हेक्टेयर 20 हजार रूपये प्रदान किये जायेंगे। श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा नदी के किनारों पर आने वाले शहर में वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित किये जायेंगे। ट्रीटेड वॉटर को किसानों के उपयोग के लिये दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि अवैध शराब बिक्री करने वाले ठेकेदारों को बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि जन अभियान के साथ प्रदेश में शराब बिक्री पर रोक लगाने की कार्यवाही की जायेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-समुदाय को नर्मदा नदी के संरक्षण के प्रति जन जागरूकता लाने का संकल्प दिलाया। मुख्यमंत्री ने की सामाजिक सदभाव की प्रशंसा मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-संवाद में सेवा यात्रा के दौरान सामाजिक सदभाव की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि सब धर्म के लोग एक मंच पर बैठे हैं। यह एक अच्छी परम्परा है। श्री चौहान ने कहा कि यह बड़े गौरव की बात है कि नर्मदा सेवा यात्रा में अलग-अलग धर्म के लोग एक-एक दिन का खर्च जनहित में वहन कर रहे हैं। सेवा यात्रा में हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई सभी धर्मावलंबी भी शामिल हुए।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 February 2017

mp vidhansabha

खरगोन में  भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा  कि आगामी विधानसभा चुनाव में किसी भी जिला अध्यक्ष को टिकट नहीं मिलेगा।  मंगलवार को चौहान राज्यस्तरीय बॉलीबाल स्पर्धा कार्यक्रम में पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि देश में पीएम नरेंद्र मोदी और प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की तुलना में किसी राजनितिक दल के पास नेता नहीं है। इस दौरान उन्होंने जनता से चीन में निर्मित उत्पादों का बहिष्कार करने का आव्हान‍ किया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 October 2016

bachhi maut

    मध्य प्रदेश के खरगौन जिले में इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। बता दें कि जन्म के कुछ ही घंटों बाद अपनों ने ही नवजात बच्ची को कचरे से भरी झाड़ियों में फेंक दिया। कुत्तों ने उसे नोच-नोचकर मार डाला। बाकी रही कसर ओंकारेश्वर नगर परिषद ने पूरी कर दी। शव उठाने के लिए कचरे की गाड़ी भेज दी।    पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। हॉस्पिटलों के रिकाॅर्ड खंगाले जा रहे हैं। घटना शुक्रवार को इंदौर-इच्छापुर हाईवे स्थित राधास्वामी सत्संग परिसर के सामने की है। दरअसल, नवजात की नाल पर एक प्लास्टिक का क्लिप लगा है। माना जा रहा है कि उसका जन्म निजी या किसी गवर्नमेंट हॉस्पिटल में ही हुअा है। कार से आए थे बच्ची को फेंकने वाले। आईविटनेस ने पुलिस को बताया कि दोपहर करीब डेढ़ बजे कुछ लोग कार से आए और हाईवे के किनारे गुरदीप सिंह बग्घा के खेत के पास नवजात बच्ची को फेंक गए। फिर गाड़ी घुमाकर बड़वाह की ओर रवाना हो गए। कुछ देर बाद बच्ची को कुत्तों और कौवों ने नोचना शुरू कर दिया। इससे बालिका की दोनों आंखें फूट गईं और सिर व चेहरे की चमड़ी भी पूरी तरह निकल गई।   मौके पर मौजूद शख्स के मुताबिक, बच्ची के शव को कुत्ते नोचते हुए हाईवे के दूसरे किनारे पर करीब 10 फीट दूर तक ले गए। राहगीरों ने कुत्तों को भगाया। वहां मौजूद एक बुजुर्ग नवजात के शव की निगरानी करता रहा। कुछ ड्राइवरों ने बताया कि उन्होंने बच्ची के रोने की आवाज भी सुनी थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  30 July 2016

shivraj singh anand

    मुख्यमंत्री चौहान ने आनंद विभाग की बैठक ली         मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने निर्देश दिये हैं कि आनंद विभाग  द्वारा अगले माह आयोजित की जाने वाली कार्यशाला में इस क्षेत्र में काम करने वाले संत और मनीषियों को आमंत्रित कर उनका मार्गदर्शन लिया जाये। मुख्यमंत्री  चौहान ने यह निर्देश आज यहाँ आनंद विभाग की बैठक में दिये। बैठक में बताया गया कि आनंद विभाग की गतिविधियाँ राज्य आनंद संस्थान के अंतर्गत संचालित की जायेगी।   मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि आनंद विभाग की गतिविधियों के अंतर्गत शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के साथ-साथ बुनियादी जरूरतों को भी शामिल किया जाये।  विभाग के दृष्टि पत्र में आनंद की अवधारणा से जुड़े दर्शन, गतिविधियों और सूचकांक शामिल किये जाये। यह विभाग हताशा और निराशा को खत्म करने के लिये वातावरण बनाने का काम करेगा। 'माँ तुझे प्रणाम' और 'मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन' जैसी योजनाओं में आनंद के लिये और क्या बदलाव किया जा सकता है, इस पर विचार करे। आनंद के प्रकटीकरण के लिये सांस्कृतिक, साहित्यिक और खेल-कूद से जुड़ी गतिविधियों की योजना बनाये। इसके लिये पाठ्यक्रम में सकारात्मक बदलाव किये जा सकते हैं। योग के संबंध में विभिन्न विभाग द्वारा संचालित गतिविधियों में एकरूपता रहे।   बैठक में बताया गया कि आनंद की अवधारणा के संबंध में विभिन्न विभाग को प्रशिक्षित किया जायेगा। योग के लिये स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा प्रदेश के सात संभाग में योग प्रशिक्षण केंद्र बनाये जायेंगे। खेल विभाग द्वारा विकास खण्ड स्तर पर योग एवं खेल प्रशिक्षण केंद्र स्थापित करने की योजना बनायी गयी है। उच्च शिक्षा विभाग योग और खेल से जुड़े पाठ्यक्रम शुरू करेगा। बैठक में नर्मदा नदी के किनारे आयुर्वेद, योग और आध्यात्म के लिये वेलनेस सेंटरों की श्रंखला शुरू करने का सुझाव दिया गया।    बैठक में मुख्य सचिव  अन्टोनी डिसा, अपर मुख्य सचिव स्कूल शिक्षा  एस. आर. मोहंती, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव  इकबाल सिंह बैंस, प्रमुख सचिव संस्कृति  मनोज श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव उच्च ‍‍शिक्षा आशीष उपाध्याय, सचिव खेल एवं युवा कल्याण  सचिन सिन्हा और संचालक खेल एवं युवा कल्याण  उपेंद्र जैन भी उपस्थित थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  25 July 2016

शिवराज के रामराज्य का रामनाम सत्य

 वरिष्ठ आईएफएस अधिकारी आजाद सिंह डबास ने गुड गवर्नेंस पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब मेरी ही शिकायत पर अठारह साल में कोई कार्रवाई नहीं हुई तो कैसा गुड गवर्नेंस। डबास ने यह बात सिविल सर्विसेज डे पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान यह बात कही। शाहपुरा झील किनारे स्थित प्रशासन अकादमी में सिविल सर्विसेज डे के मौके पर यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था जिसमें प्रदेश के आईएएस, आईपीएस और आईपीएस अधिकारियों ने हिस्सा लिया। सुबह साढ़े दस बजे कार्यक्रम की शुरूआत हुई जो दोपहर दो बजे तक चला। अपर मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने गुड गवर्नेंस को लेकर प्रिजेंटेशन दिया। कार्यक्रम में सवाल जवाब के दौरान आईएफएस अधिकारी डबास ने कहा कि उन्होंने 18 साल पहले ग्वालियर में अवैध रूप से खनिज उत्खनन को लेकर मुख्य सचिव से लेकर कई जगह शिकायत की थी। आज तक उस शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जब मुझे ही न्याय नहीं मिला तो कैसा गुड गवर्नेंस है? सिविल सर्विस डे के एक दिन पहले अफसरों ने सिस्टम को कटघरे में खड़ा किया तो किसी ने सुधार को लेकर प्रश्न किए। मुख्य सचिव अंटोनी डिसा और पुलिस महानिदेशक सुरेन्द्र सिंह प्रश्न पूछने में सबसे आगे रहे। अफसरों के हर प्रश्न का उत्तर अपर मुख्य सचिव स्कूल शिक्षा एसआर मोहंती ने बड़े ही बेबाकी और प्रशासनिक दायरे में रहते हुए दिए। प्रशासन अकादमी में आईएएस, आईपीएस और आईएफएस अफसरों के बीच जैसे ही प्रश्नोत्तर काल शुरू हुआ कि मुख्य सचिव अंटोनी डिसा ने पहला प्रश्न किया कि सीनियर अधिकारी के लिए माइक्रो मैनेजमेंट में गुड आस्पेक्ट कैसे हो सकता है। इसी दौरान पुलिस महानिदेशक सुरेन्द्र सिंह ने सवाल किया कि माइक्रो मैनेजमेंट में एकाउंटेबिलिटी को लेकर कैसे काम किया जा सकता है। सीएस के प्रश्न का उत्तर देते हुए एसीएस मोहंती ने बताया कि इरिगेशन पॉलिसी के लिए एसीएस जलसंसाधन आरएस जुलानिया द्वारा किए गए कार्य माइक्रो मैनेजमेंट का सबसे अच्छा उदाहरण है। डीजी सवाल पर उत्तर मिला कि रिस्पांसबिलिटी फिक्स करने की जरूरत है। सोशल मीडिया आजकल इसमें अहम् रोल अदा कर रहा है। आंख मंूदकर स्थानीय अफसर विश्वास करने की जरूरत नहीं है।   APCCF डबास को CS डिसा की डपट, बोले पर्सनल बातों का नहीं है मंच अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक आजाद सिंह डबास को मुख्य सचिव अंटोनी डिसा और पीसीसीएफ नरेन्द्र कुमार की फटकार भी लगी। डबास को बोलने के बीच ही रोकते हुए उन्हें नसीहत दी गई कि यह मंच पर्सनल बातों के लिए नहीं बल्कि गुड गर्वनेंस पर बोलने के लिए है। डबास ने मंच से 18 साल पुराना एक मामला उठाते हुए कोई कार्रवाई नहीं होने की बात कही थी। वे अपने ही विभाग के अफसरों की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगा रहे थे। दरअसल अपर मुख्य सचिव स्कूल शिक्षा एसआर मोहंती अफसरों के प्रश्नों का उत्तर दे रहे थे। इसी दौरान एपीससीएफ अजाद सिंह डबास खड़े हुए और प्रश्न दागा कि ग्वालियर वृत्त के वन क्षेत्र में खनिज का अवैध उत्खनन हुआ, मैने शिकायत की, पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। वे विभाग पर कुछ और बोलते इसके पहले मुख्यसचिव ने बीच में ही रोका और बैठ जाने को कहा। डबास फिर भी नहीं माने और बोलने को आगे बढ़े तभी पीसीसीएफ ने भी टोका और पर्सनल बातें अलग से करने की नसीहत दे डाली।   ACS मोहंती का प्रजेंटेशन काबिल-ए-तारीफ सिविल सर्विस डे के मौके पर स्कूल शिक्षा विभाग के एसीएस एसआर मोहंती ने प्रजेंटेशन दिया। उन्होंने कहा कि कौटिल्य, प्रजा की खुशी में अपनी खुशी मानते थे। वे अपनी खुशी को खुशी नहीं मानते थे। हम सिस्टम को डेवलप कैसे कर सकते हैं? पैसे का इस्तेमाल लोगों के लिए कैसे कर सकते हैं? इस तरह की नीति बनाकर मौजूदा समय में काम करने की जरूरत है। गुड गवर्नेंस के पांच पिलर हैं। सिटिजन सेंट्रिंग प्रशासन ही गुड गवर्नेंस में माना जाता है। जीरो टॉलरेंस, लीगल सिस्टम, कांपीटेंट पर्सनल, साउंड पर्सनल मैनेजमेंट, गुड पॉलिसी इसके लिए आवश्यक हैं।   माइक्रो मैनेजमेंट में एकाउंटेबिलिटी पर कैसे होगा काम: DGP सवाल: डीजीपी सुरेन्द्रसिंह-माइक्रो मैनेजमेंट में एकाउंटेबिलिटी को लेकर कैसे काम किया जा सकता है। जवाब: एसीएस मोहंती- रिस्पांसबिलिटी फिक्स करने की जरुरत है। सोशल मीडिया आजकल इसमें रोल अदा कर रहा है। आंख मूंदकर स्थानीय अफसर पर विश्वास करने की जरुरत नहीं है। सवाल: सीएस अंटोनी डिसा- सीनियर अधिकारी के लिए माइक्रो मैनेजमेंट में गुड आस्पेक्ट कैसे हो सकता है। जवाब: एसीएस मोहंती - इरिगेशन पॉलिसी के लिए एसीएस आरएस जुलानिया द्वारा किए गए कार्य माइक्रो मैनेजमेंट का सबसे अच्छा उदाहरण है। सवाल: एडीजी प्रदीप रुनवाल-डायल 100 में फाल्स काल भी आते है इसे रोकने के लिए क्या प्रयास किए जा रहे है। जवाब: एडीजी अन्वेष मंगलम -85 फीसदी फाल्स काल एमपी में आ रहे है। इसे कम करने के लिए दवाब बनाने की जरुरत अभी नहीं है। देश-प्रदेश में इस तरह की बहुत शिकायत आती है। कई बार मिस कॉल से भी जानकारी मिलती है। कई बार लोग पचास से सौ बार फाल्स कॉल् करते हे। ऐसे लोगों को ब्लैक लिस्ट किया है पर पूरी तरह इग्नोर नहीं किया है। सवाल: डायल 100 के बाद पुलिस कर्मी बीट पर मौजूद नहीं रहते। पुलिस का संवाद घटा है। इसे सुधारने की जरुरत है। जवाब: डीजीपी-सिंहस्थ के चलते फोर्स की दिक्कत आई है। बीट में मूवमेंट कम नहीं होने देंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

Video
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2023 MadhyaBharat News.