Since: 23-09-2009

  Latest News :
कांग्रेस इस बार 40 सीट भी पार नहीं कर पाएगी : अमित शाह.   अपने गुरु को धोखा देने वाला दिल्ली के लोगों का विश्वास कैसे जीत सकता है : राजनाथ.   महाराष्ट्र के डोंबिवली में केमिकल कंपनी में बॉयलर फटने से छह लोगों की मौत.   भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदाेलन करते करते खुद जेल चले गए केजरीवाल : भजनलाल शर्मा.   एसडीआरएफ टीम की नाव पलटी 03 जवानों की मौत.   कोलकाता के न्यू टाउन में मिला बांग्लादेश के लापता सांसद का शव.   नौतपा के पहले ही जमकर तप रहा इंदौर.   तुष्टीकरण ही कांग्रेस और टीएमसी की खुराक: शिवराज.   वैशाख पूर्णिमा पर कुबेरेश्वरधाम में उमड़ा आस्था का सैलाब.   नर्सिंग घोटाला शैक्षणिक जगत के लिए कलंकित करने वाला घोटाला: मुकेश नायक.   हाइटेंशन लाइन की चपेट में आने से दो छात्रों की मौत.   चंद्रमा का भी होता है नामकरण, बुद्ध पूर्णिमा का चांद ‘फ्लावर मून’ कहलाएगा.   प्रदेश के कई जिलों में प्री मानसून की बारिश.   कलकत्ता हाईकोर्ट का निर्णय मुंह पर तमाचा : विष्णु देव साय.   स्व. वरिष्ठ पत्रकार की पत्नी की घर पर मिली लाश.   अज्ञात वाहन ने बाइक सवार को मारी टक्कर एक युवक की हुई मौत.   झीरम जांच रिपोर्ट सार्वजनिक करेगी सरकार : विजय शर्मा.   नारायणपुर जिले की सीमा पर नक्सलियों से जवानों की मुठभेड़.  

बालाघाट News


bhopal, 100 percent voting, Naxal affected village

भोपाल। मध्य प्रदेश के बालाघाट-सिवनी सीट पर सुबह सात बजे से निर्वाचन प्रक्रिया जारी है। जिले के तीन नक्सल प्रभावित विधानसभा क्षेत्रों में कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान कराया जा रहा। जिले में बैहर, परसवाड़ा और लांजी नक्सल प्रभावित विधानसभा हैं। बैहर विधानसभा के रूपझर थाना क्षेत्र के वनग्राम दुगलई में नौ बजे से पहले ही सौ प्रतिशत मतदान हो गया। सुबह मतदान से पहले ही आदिवासी ग्रामीण केंद्र में जुट गए थे। बताया गया कि यहां कुल 80 मतदाता हैं, जिन्होंने उत्साह के साथ मतदान किया।     नक्सल प्रभावित तीनों विधानसभाओं में सुबह 7 से शाम 4 बजे तक मतदान होगा, जबकि अन्य पांच विधानसभा में मतदान प्रक्रिया शाम छह बजे तक चलेगी। नक्सल प्रभावित इलाकों में पुलिस ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है। एक अप्रैल को लांजी के केराझरी के जंगल में हुई मुठभेड़ के बाद पुलिस अधिक सतर्क और मुस्तैद है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 April 2024

Balaghat, BGL cells ,Naxalites

भोपाल । प्रदेश के बालाघाट जिले में सर्चिंग के दौरान नक्सलियों से सोमवार रात हुई मुठभेड़ में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। मुठभेड़ में दो इनामी नक्सलियों को पुलिस ने ढेर किया है। साथ ही उनके पास से बीजीएल सेल, एके-47 और 12 बोर की राइफल भी बरामद की गई। आईजी इंटेलिजेंस डॉ. आशीष ने यह खुलासा किया है। आईजी ने कहा कि 20 से 25 नक्सलियों से मुठभेड़ हुई थी। बालाघाट के जंगलों में सर्चिंग अभियान अब भी जारी है।   आईजी ने बताया कि मध्यप्रदेश में पहली बार नक्सलियों के पास से बीजीएल सेल बरामद किए गए हैं। (बीजीएल) ग्रेनेड लांचर के कारतूस पहली बार जब्त किया गया है। नक्सलियों से बरामद हथियारों की जांच होगी कि इतने हाईटेक हथियार उनके पास कहां से आए? यह हथियार अब तक छत्तीसगढ़ से नक्सलियों के पास मिल चुके हैं। मारे गए नक्सलियों के पास से 1 एके-47 और 12 बोर के राइफल भी बरामद की गई है। मुठभेड़ में ढेर महिला नक्सली पर 43 लाख रुपये का इनाम था। मारी गई महिला नक्सली कान्हा भोरमदेव डिवीजन के विस्तार प्लाटून 2 की डिवीजनल कमेटी के सदस्य थी। दूसरा नक्सली मलाजखंड एरिया कमेटी का सदस्य था। मुठभेड़ में ढेर दोनों नक्सली मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र में कई नक्सली वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। उल्लेखनीय है कि लांजी थाना क्षेत्र के पितकोना जंगल में यह मुठभेड़ हुई है। वहीं, मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने पुलिस और हॉक फोर्स को दी बधाई है। मुख्यमंत्री ने बधाई देते हुए कहा कि जवानों की मुस्तैदी से पुलिस की अलग साख बनी है। इन जवानों पर मध्यप्रदेश सरकार को गर्व है। उन्होंने कहा हम नक्सलाइट मूवमेंट को कभी भी पनपने नहीं देंगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 April 2024

balaghat, Naxalite Chaitu , police encounter

बालाघाट। मध्यप्रदेश के बालाघाट जिले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। यहां बुधवार देर रात मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ सीमा से लगे कान्हा नेशनल पार्क के सूपखार इलाके में पुलिस और नक्सलियों की मुठभेड़ हुई है। मुठभेड़ में पुलिस ने 14 लाख के इनामी नक्सली को ढेर कर दिया है। मौके पर वरिष्ठ अधिकारी पहुंचे है। घटना के बाद क्षेत्र में सर्चिंग तेज कर दी गई है। जानकारी अनुसार पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि सूपखार के खमको दादर जंगल में नक्सली इकट्ठा हुए हैं। वे किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं। जानकारी के आधार पर हॉकफोर्स ने ऑपरेशन नक्सली शुरू किया। जवानों ने इलाके को घेर लिया और नक्सलियों को सरेंडर करने के लिए कहा। इस दौरान नक्सलियों ने पुलिस पर गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी फायरिंग के बाद वे भाग निकले। तलाशी अभियान में एक नक्सली का शव बरामद किया गया। उसकी पहचान 25 वर्षीय चैतु उर्फ मड़काम हिड़मा ऊर्फ चैतु, निवासी बीजापुर एरिया के रूप में हुई है। वह मलाजखंड दलम का सक्रिय सदस्य था और कई नक्सली वारदात में शामिल था। उसके ऊपर 14 लाख रुपये का ईनाम घोषित था। इस मुठभेड़ में उसके कई साथियों के घायल होने की भी खबर है। नक्ली कितने संख्या में थे इसकी अधिकृत जानकारी नहीं मिल पाई है। मुठभेड़ के बाद घटनास्थल के जंगल क्षेत्र में सर्चिंग तेज कर दी गई है। मुठभेड़ स्थल से हथियार भी बरामद किया गया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 December 2023

balaghat, Naxalite carrying,Balaghat forest

बालाघाट/भोपाल। मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले में नक्सली उन्मूलन में लगे पुलिस बल और हॉकफोर्स को शुक्रवार तड़के एक और बड़ी सफलता हाथ लगी। रूपझर थाना अंतर्गत कुंदल-कोद्दापार और सोंगुदा के जंगल में पुलिस और हॉकफोर्स ने मुठभेड़ में 14 लाख के एक इनामी नक्सली को मार गिराया। उसकी पहचान नक्सली दलम टाडा दडेकसा के सक्रिय सदस्य 25 वर्षीय नक्सली कमलु के रूप में की गई। फिलहाल कार्रवाई जारी है।     पुलिस अधीक्षक समीर सौरभ ने घटना की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि रूपझर थाना अंतर्गत कुंदल-कोद्दापार और सोंगुदा के जंगल में एसडीजी बिरसा हॉकफोर्स की जंगल सर्चिंग के दौरान नक्सलियों से मुठभेड़ हुई। इस दौरान नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। इसके जवाब में हॉकफोर्स की ओर से की गई फायरिंग में नक्सली कमलु को मार गिराया। उसकी गिरफ्तारी पर 14 लाख का इनाम घोषित था। मुठभेड़ में अन्य नक्सली भी घायल हुए हैं। घटना के बाद क्षेत्र के जंगलों में सर्चिंग तेज कर दी गई है।   उन्होंने बताया कि इससे पूर्व 22 अप्रैल को गढ़ी थाना अंतर्गत कदला के जंगल में बालाघाट पुलिस ने 14-14 लाख रुपये की इनामी महिला नक्सली एरिया कमांडर और गार्ड भोरम देव में एरिया कमांडर टांडा दलम और वर्तमान में विस्तार दलम में काम कर रही एसीएम सुनीता और नक्सली कबिर की गार्ड रही सरिता को मार गिराया था। उनके पास से बंदूकें, कारतूस, बड़ी मात्रा में असलहा बरामद किया गया था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 September 2023

balaghat,dead body ,boy found

बालाघाट। जिले के बहेला थाना क्षेत्रांतर्गत सहेकी-पालडोंगरी मार्ग पर बीते रविवार को सहेकी नाले के पानी में तेज बहाव होने से एक आठ वर्षीय बालक बह गया था। उसका शव तीसरे दिन मंगलवार को छह किलोमीटर दूर कोटरा डैम वाली नहर में ग्राम बोरी गैठान के पास नाले की झाड़ियों में फंसा हुआ मिला। करीब साढ़े 43 घंटे चले रेस्क्यू आपरेशन के बाद बच्चे का शव बरामद किया गया।       पुलिस के मिली जानकारी के अनुसार ग्राम सहेकी निवासी आठ वर्षीय विशाल पुत्र महेश मेद्यनाथ रविवार को अपने तीन-चार दोस्तों के साथ सहेली नाले की तरफ खेलने के लिए गया था। खेलते समय विशाल मेद्यनाथ के हाथ गंदे हो गए तो वह हाथ धोने के लिए नाले किनारे उतरा था। इसी दौरान हाथ धोते समय उसका पैर फिसलने से वह पानी के तेज बहाव में बह गया था। घटना की जानकारी उसके साथियों ने घर जाकर दी। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई।       बहेला थाना प्रभारी जेपी त्रिपाठी ने बताया कि रविवार की शाम छह बजे सूचना मिली थी कि एक बालक सहेकी नाले में हाथ धोते समय पानी के तेज बहाव में आने से बह गया है। रविवार को मौके पर जाकर तलाश की और शाम होने पर वापस आ गए। बालाघाट से एसडीआरएफ और होमगार्ड के बचाव दल को बुलवाकर सोमवार सुबह से तलाशी अभियान शुरू किया गया था, परंतु देर शाम तक पता नहीं चल पाया। मंगलवार को फिर सुबह बचाव दल ने तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान दोपहर साढ़े 12 बजे झाड़ियों में फंसा हुआ शव मिला है। शव का पंचनामा कार्रवाई पूरी करते हुए पोस्टमार्टम कराया गया और इसके बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर मामले को जांच में लिया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 July 2023

खराब मौसम के कारण अमित शाह का बालाघाट दौरा रद्द

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का बालाघाट दौरा रद्द हो गया है। उनका हेलिकॉप्टर रायपुर से बालाघाट के लिए उड़ा था, लेकिन खराब मौसम के कारण हेलिकॉप्टर आधे रास्ते से ही वापस लौट गया। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ये जानकारी दी है। बता दें कि बालाघाट में दोपहर बाद अचानक मौसम बदल गया। बादल घिर आए। यहां बूंदाबांदी हो रही है।केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का गुरुवार को बालाघाट का दौरा प्रस्तावित था। वे यहां रोड शो के बाद जनसभा करने वाले थे। साथ ही वीरांगना रानी दुर्गावती के बलिदान दिवस पर निकाली जा रही गौरव यात्रा का शुभारंभ भी करने वाले थे। शाह का दौरा रद्द होने के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कार्यक्रम को आगे बढ़ाया।उन्होंने कहा कि अमित शाह दुर्ग से चले थे। रास्ते में बारिश होने और खराब मौसम के कारण उन्हें बीच से ही लौटना पड़ा और रायपुर की ओर जाना पड़ा। अमित शाह हमारे बीच फिर कभी आएंगे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 June 2023

balaghat,Naxalites , support of Anganwadi workers

बालाघाट। बालाघाट जिले में नक्सलियों की मौजूदगी का अहसास समय-समय पर नक्सली बैनर और पर्चों के माध्यम से कराते रहते हैं, इस बार नक्सलियों ने बैनर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की नीतियों के विरोध के साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं की मांगों का समर्थन किया है। जिले के बैहर मार्ग पर रूपझर थाना अंतर्गत बंजारी और लौंगुर के बीच उसकाल नाले के पास नक्सलियों द्वारा दो बैनर बांधे गये थे। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) एमएमसी राज्य कमेटी के नाम से बांधे गये पहले बैनर में नक्सलियों ने जिले में पेसा एक्ट को लेकर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री मोदी एवं मुख्यमंत्री चौहान का जिक्र किया है। नक्सलियों ने लिखा है कि सोनेवानी-सेलझरी अभ्यारण्य के जल, जंगल, जमीन से सैकड़ों गांवों को विस्थापन करना है, जिसे छिपाने के लिए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की सरकार गांव-गांव में जनता को विकास का लोभ दिखा रही है। जिसका हमें विरोध करना है, जबकि दूसरे बैनर में अन्याय के खिलाफ अपनी मांगों और अधिकारों को हासिल करने तक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं से आंदोलन को जारी रखने की अपील की गई है। साथ ही अपने हित में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से कहा गया है कि वे अपने हित में 24 हजार, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को 18 हजार रूपये वेतन देने और उनके नियमितिकरण की बात करें। सरकार इस मांग को माने। वहीं, रिटायरमेंट में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को पांच लाख, सहायिकाओं को ताीन लाख एकमुश्त राशि देने और पेंशन का लाभ देने की मांग इन नक्सलियों द्वारा रखी गई है। फिलहाल पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 May 2023

balaghat, Naxalites killed, police encounter

बालाघाट। मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले में हॉक फोर्स ने (शनिवार) तड़के करीब तीन बजे पुलिस मुठभेड़ में दो इनामी महिला नक्सली को मार गिराया। यह मुठभेड़ गढ़ी थाना क्षेत्र अंतर्गत कदला के जंगल में हुई। पुलिस को इस जंगल में और भी नक्सलियों के छुपे होने की आशंका है। हॉक फोर्स के जवान जंगल को खंगाल रहे हैं। पुलिस अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की है।   पुलिस के मुताबिक मुठभेड के दौरान दोनों से काफी समय तक फायरिंग हुई। इस मुठभेड़ में दो हार्ड कोर महिला नक्सली सुनीता और सरिता की मौत हो गई। सुनीता एसीएम भोरम देव एरिया कमांडर, टाडा दलम में थी। इस समय वह विस्तार दलम में काम कर रही थी। सरिता खटिया मोचा एसीएम, कबीर के साथ गार्ड के रूप में काम करती थी। वह भी इस समय विस्तार दलम में थी। जंगल में आईजीपी बालाघाट संजय कुमार, पुलिस अधीक्षक बालाघाट समीर सौरभ और हॉक फोर्स के आला अधिकारी मौजूद हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 April 2023

balaghat,Bribe taker, Patwari arrested

बालाघाट। जबलपुर लोकायुक्त पुलिस ने सोमवार को लालबर्रा तहसील कार्यालय में 9 हजार रुपये की रिश्वत लेत पटवारी हल्का नंबर के 18 के पटवारी 46 वर्षीय संजय पुत्र सेवकराम पटले को रंगेहाथ गिरफ्तार किया है।   लोकायुक्त कमलसिंह उईके ने बताया कि शिकायतकर्ता बालाघाट नगरीय क्षेत्र के वार्ड क्रमांक 32 शारदा ज्ञानपीठ के पास मोती विहार कॉलोनी निवासी 64 वर्षीय उत्तम पुत्र स्व. सिलेवार ने शिकायत की थी कि उनकी स्व. माता जी के नाम से लालबर्रा के ग्राम पनबिहरी में लगभग पौने 6 एकड़ कृषि भूमि में माताजी की मृत्यु उपरांत उक्त जमीन के फौती, नामांतरण, त्रुटि सुधार, हक त्याग, सीमांकन और बंटवारा कार्य कराने के एवज में पटवारी संजय पटेल द्वारा 23 हजार रुपये रिश्वत की मांग की गई थी। जिसमें शिकायत की जांच उपरांत 18 हजार रुपये में बात तय हुई, जिसमें सोमवार को रिश्वत की प्रथम किस्त के तौर पर 9 हजार रुपये की राशि शिकायतकर्ता द्वारा दिये जाने पर तहसील कार्यालय लालबर्रा में पटवारी संजय पटले को रिश्वत की राशि के साथ रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया है। जिन पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा के तहत अपराध पंजीबद्व किया गया है।   रिश्वत लेते पटवारी को रंगेहाथ गिरफ्तार करने में जबलपुर लोकायुक्त पुलिस निरीक्षक कमलसिंह उईके, निरीक्षक नरेश बेहरा एवं ट्रैप दल के अन्य सदस्य शामिल थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 April 2023

balaghat, Three people , Maharashtra Chandrapur

बालाघाट। रविवार की सुबह लगभग 8 बजे रजेगांव से आगे बालाघाट रोड पर घिसर्री नदी के पास तेज रफ्तार कार के पेड़ से टकरा जाने से उसमें बैठे परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई, जबकि चार लोग घायल हो गये। जिसमें एक की हालत गंभीर है।   बताया जा रहा है कि घटनाक्रम के अनुसार महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले के ब्रम्हपुरी से कार में परिवार जिले के बैहर क्षेत्र के कुमादेही, आयुर्वेदिक दवा लेने आ रहा था।   पुलिस के अनुसार कार में ब्रम्हपुरी निवासी परिवार के सदस्यो में ससुर 65 वर्षीय विजय पुत्र गणपत बडोल कार चला रहे थे, जबकि कार में पत्नी 60 वर्षीय कुंदा पति विजय बडोले, पुत्र 40 वर्षीय गिरीश पुत्र विजय बडोले, बहु 35 वर्षीय बबिता पति गिरीश बडोले, बेटी 35 वर्षीय मोनाली पति धनंजय चौधरी और नातन पुत्र की बेटा 3 वर्षीय हंसित पुत्र गिरीश चौधरी और पुत्री की बेटी 5 वर्षीय विदिशा पुत्र गिरीश चौधरी बैठे थे। वाहन रजेगांव से निकलकर आगे बड़ा ही थी मंगोली और नेवरगांव कला के बीच घिसर्री नदी के पास एक दुपहिया वाहन चालक को बचाने के चक्कर में कार चालक विजय बडोले से कार का नियंत्रण खो गया और कार अनियंत्रित होकर पेड़ से टकरा गई।   घटना इतनी जबरदस्त थी पेड़ से टकराते ही कार के परखच्चे उड़ गये। जिसमें कार सवार 35 वर्षीय मोनाली पति धनंजय चौधरी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि मां 50 वर्षीय कुंदा पति विजय बडोले और पुत्र 40 वर्षीय गिरीश पिता विजय बडोले की जिला चिकित्सालय लाते समय मौत हो गई, जबकि कार चालक 55 वर्षीय विजय पिता गणपत बडोले की हालत चिंताजनक बनी हुई है। जिन्हें रिफर कर दिया गया है।   एम्बुलेंस से मृतकों और घायलों को जिला चिकित्सालय लाया गया। जहां घायलों का उपचार चल रहा है। वहीं मृतकों के शवों को अस्पताल चौकी पुलिस ने बरामद कर लिया है। घायल बबिता बडोले ने बताया कि वह बैहर के कुमादेही में आयुर्वेदिक दवा लेने आ रहे थे, इस दौरान ही सामने एक दुपहिया वाहन को बचाने के चक्कर में वाहन अनियंत्रित होकर पेड़ से टकरा गया। कहते है कि जाको राखे सईंया मार सके ना कोय, इस भीषण सड़क हादसे में 3 वर्षीय हंसित और 5 वर्षीय विदिशा, पूरी तरह सुरक्षित है। जिन्हें केवल मामुली खरोंचे आई है। पुलिस की माने तो घटना की सूचना परिजनों को दे दी गई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 April 2023

balaghat,Charter plane crash , trainer killed

बालाघाट। मध्यप्रदेश के बालाघाट जिला मुख्यालय से करीब 45 किमी दूर किरनापुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम भक्कूटोला-कोसमारा के घने जंगल में शनिवार दोपहर करीब 3.30 बजे एक ट्रेनर एयरक्राफ्ट क्रैश हो गया। इस हादसे में एक पायलट और एक महिला प्रशिक्षु पायलट की मौत हो गई। एक का शव दो चट्टानों के बीच जलती हुई हालत में बरामद हुआ है। बिरसी एयरपोर्ट में पदस्थ सुरक्षा जांच समन्वयक कमलेश मेश्राम ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि मृतकों में महिला प्रशिक्षु पायलट रुपशंका और इंस्ट्रक्टर मोहित शामिल हैं। एयरक्राफ्ट के क्रैश होने का कारणों का पता नहीं लग सका है। बताया गया कि विमान हादसे से करीब 15 मिनट पहले ही बिरसी हवाई पट्टी से उड़ा था। बालाघाट जिले में जहां प्लेन गिरा है, वहां दोनों ओर पहाड़ हैं। पहाड़ों के बीच में करीब 100 फीट गहरी खाई में प्लेन का मलबा मिला है। घना जंगल और पहाड़ी क्षेत्र होने के कारण रेस्क्यू टीम और अफसरों को मौके पर पहुंचने में काफी मशक्कत करना पड़ा। हादसे वाली जगह पहुंचने के लिए करीब सात किमी जंगल और पहाड़ का रास्ता पैदल तय करना पड़ा। हादसे के बाद महाराष्ट्र के गोंदिया जिले के एसपी, हॉक फोर्स के जवान मेडिकल टीम के साथ स्ट्रेचर लेकर मौके के लिए रवाना हुए हैं। एटीसी गोंदिया के एजीएम कमलेश मेश्राम ने बताया कि दिल्ली की विशेष की जांच और ब्लैक बाक्स खंगालने के बाद हादसे का कारण पता चलेगा। हालांकि, एयरक्राफ्ट के क्रैश होने के पीछे तकनीकी खामियां हो सकती हैं। भक्कूटोला की पहाड़ी के नीचे चट्टानों के पास एयरक्राफ्ट क्षतिग्रस्त हालत में दिखाई दिया। पुलिस ने दोनों शव बरामद कर लिए हैं। बालाघाट के पुलिस अधीक्षक समीर सौरभ ने बताया कि एयरक्राफ्ट क्रैश होने की सूचना पर मौके पर पुलिस टीम को रवाना किया गया। यह प्लेन महाराष्ट्र के गोंदिया जिले के बिरसी एयरपोर्ट का ट्रेनी विमान था, जो बालाघाट जिले की सीमा में हादसे का शिकार हुआ है। आईजीआरयूए के प्रशिक्षु गोंदिया में लेते हैं ट्रेनिंग एयरपोर्ट एथारिटी, मुंबई के रीजनल एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर (बिरसी एयरपोर्ट, महाराष्ट्र) राधाकृष्णनन ने बताया कि हादसे करीब 3.30 बजे का है। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी (रायबरेली, उप्र) में कोर्स पूरा करने के बाद गोंदिया के प्रशिक्षण केंद्र में प्रशिक्षु पायलटों का प्रशिक्षण कराया जाता है। प्रशिक्षु पायलट गोंदिया से प्रशिक्षकों के साथ ट्रेनिंग लेते हैं, लेकिन शनिवार को दुभार्ग्यवश ये घटना हो गई। एयरक्राफ्ट कैसे क्रैश हुआ, ये जांच के बाद ही पता चलेगा। जानकारी के अनुसार, जो एयरक्राफ्ट हादसे का शिकार हुआ है, उसे सिंगल इंजन डी-41 ट्रेनी एयरक्राफ्ट कहा जाता है। गोंदिया एयरपोर्ट में ऐसे 16 डी-41 ट्रेनी एयरक्राफ्ट हैं और 4 डबल इंजन डी-42 ट्रेनी एयरक्राफ्ट हैं। हर साल 100 से अधिक प्रशिक्षु पायलट गोंदिया एयरपोर्ट में ट्रेनिंग लेते हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 March 2023

बालाघाट में खुलेगा मेडिकल कॉलेज - मुख्यमंत्री

  349 करोड़ रूपये के विकास कार्यों का लोकार्पण    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि शिक्षक सही मायनों में राष्ट्र के निर्माता हैं। गुरूजनों से शिक्षा प्राप्त कर बच्चे शिक्षित होते हैं और समाज के सभी क्षेत्रों में देश का नेतृत्व कर रहे है। शिक्षक अपने आप को शासकीय सेवक न समझें, राष्ट्र निर्माता समझ कर अपने दायित्वों का निर्वहन करें और बच्चों को अच्छी शिक्षा दें। मुख्यमंत्री चौहान छत्रपति शिवाजी जैविक कृषि उपज मंडी बालाघाट में गुरूजन सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री चौहान ने शिक्षा क्षेत्र के साथ सामाजिक क्षेत्र में अपना उल्लेखनीय योगदान दे रहे व्यक्तियों को पुष्प-गुच्छ, शाल-श्रीफल एवं स्मृति-चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। इस दौरान उन्होंने जिले के 349 करोड़ 44 लाख 38 हजार रुपये की लागत के 17 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमि-पूजन भी किया। मुख्यमंत्री चौहान ने जिले में विधायक श्री गौरीशंकर बिसेन के प्रयासों से प्रति वर्ष शिक्षक दिवस पर किये जा रहे प्रतिभा सम्मान समारोह की सराहना की। उन्होंने कहा कि प्रति वर्ष समारोह कर समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य कर रहे व्यक्तियों को सम्मानित किया जाना निश्चित रूप से हर्ष का विषय है। आज इस कार्यक्रम से जुड़ कर मैं अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ। उन्होंने कहा कि बालाघाट जिला अनोखा जिला है, जहाँ बेटा-बेटी में कोई भेदभाव नहीं है। जिले में बेटों से अधिक बेटियाँ जन्म लेती है। हमें बालाघाट जिले पर गर्व है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार बच्चों की पढ़ाई के लिए अनकों योजना चला रही है। खास कर निर्धन वर्ग के मेधावी छात्र-छात्राओं को आगे लाने सरकार उनकी उच्च शिक्षा के लिए फीस का इंतजाम भी कर रही है। उन्होंने जिले के लिए मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने सीएम राईज स्कूल पत्रिका का विमोचन भी किया।   बिना सहकार, नही उत्थान : मुख्यमंत्री चौहान मुख्यमंत्री ने बालाघाट में किया सहकार भवन का लोकार्पण मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज बालाघाट के कालीपुतली चौक पर 1 करोड़ 80 लाख की लागत से निर्मित कुशाभाऊ ठाकरे सहकार भवन का लोकार्पण किया। उन्होंने सहकारिता भवन का नाम कुशाभाऊ ठाकरे रखने पर प्रसन्नता जाहिर की। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कुशाभाऊ ठाकरे सहकारिता के वट वृक्ष थे। उन्होंने कहा कि सहकारिता की भावना से ही आगे बढ़ते चले, किसान को जीरो प्रतिशत ब्याज दर पर कृषि के लिए कर्ज जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि  किसानों के हित में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के साथ मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना चल रही है। किसानों को जब भी जरूरत पड़ेगी, तो राज्य सरकार  सहकारिता के माध्यम से कार्य करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी। केंद्रीय इस्पात एवं ग्रामीण राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, जिले के प्रभारी मंत्री  हरदीप सिंह डंग, आयुष (स्वंतत्र प्रभार) और जल संसाधन राज्य मंत्री राम किशोर नानो कावरे, पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग के अध्यक्ष एवं विधायक  गौरीशंकर बिसेन, पूर्व विधायक भगत सिंह नेताम सहित विभागीय अधिकारी और किसान उपस्थित थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 September 2022

पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन कर्मचारियों , मीडिया पर भड़के

  जिला पंचायत परिसर में जाने से रोकने पर आपा खोया      पूर्व कृषि मंत्री और  मध्यप्रदेश पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग अध्यक्ष व बालाघाट विधायक गौरीशंकर बिसेन एक बार फिर नाराज दिखे। गौरीशंकर बिसेन कर्मचारियों पर बिफर गए।  उन्होंने जिला पंचायत परिसर में पहले अधिकारी व कर्मचारियों पर जमकर आक्रोश व्यक्त किया। इसके बाद जिला पंचायत परिसर के सामने लगी दुकानों को लेकर दुकानदारों के प्रति अभद्र शब्दों का उपयोग कर उन्हें लताड़ लगाई। मंडी परिसर में अपने गनमेन पर भी जमकर भड़के और इस दौरान वीडियों बना रहे मीडियाकर्मियों के विरुद्ध अभद्र व्यवहार किया। जिला पंचायत परिसर में सभापति चुनाव की प्रक्रिया संपन्न कराई गई। इस मौके पर बिसेन  भी जिला पंचायत परिसर के अंदर जाने का प्रयास कर रहे थे।  लेकिन उन्हें गेट पर ही रोक दिया गया। जिससे वे आक्रोशित हो उठे और यहां पर ही जिला पंचायत परिसर के सामने लगी दुकानों को लेकर एसडीएम समेत अन्य अमले को ये दुकानें कैसे लगी है इस हटाया क्यों नहीं जा रहा है। इस दौरान उन्होंने अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए दुकानदारों को भी फटकार लगाईं।  इस दौरान गनमेन समेत कुछ लोगों के द्वारा वीडियो बनाए गए थे, जिन्हें पकड़कर तत्काल ही वीडियो डिलीट कराए गए जिसके चलते ये वीडियो सोशल मीडिया तक पहुंच नहीं पाए। वहीं वीडियो बना रहे गनमेन को भी उन्होंने जमकर फटकार लगाई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 September 2022

निकाय चुनाव के दूसरे चरण में महाकोशल-विंध्य में मतदान

  महापौर पार्षदों की किस्मत ईवीएम में हुई कैद  मध्यप्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव के दूसरे  चरण में बुधवार को महाकोशल-विंध्य के जिलों में मतदान हुआ है । जबलपुर के कटंगी, मझौली, पाटन और शहपुरा नगर परिषद में मतदान किया जा रहा है। वहीं बालाघाट नगर पालिका, कटंगी व लांजी नगर परिषद के अलावा सिवनी की छपारा और केवलारी नगर परिषद में ईवीएम से मतदान होगा। सतना जिले की नगर पालिका परिषद मैहर, नगर परिषद नागौद, रामपुर बाघेलान, रामनगर, अमरपाटन व कोटर के अलावा रीवा नगर निगम, नगर परिषद गोविंदगढ़, गुढ़, सिरमौर, बैकुंठपुर, त्योंथर, मनगवां, सेमरिया, चाकघाट व डभौरा में मतदान होगा। उमरिया की नवगठित मानपुर नगर परिषद में भी मतदाता पहली बार वोट डालेंगे। कटनी नगर निगम और बरही नगर परिषद और शहडोल की नगरीय निकाय धनपुरी, ब्यौहारी, खांड और बकहो में कड़ी सुरक्षा के बीच होगा मतदान होगा। बुंदेलखंड के दमोह जिले की हटा नगर पालिका परिषद और तेंदूखेड़ा व पटेरा नगर पंचायत के अलावा पन्ना जिले की गुनौर नगर परिषद, पवई और अमानगंज में मतदाता प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे।बालाघाट के  कटंगी व लांजी के पार्षदों के निर्वाचन के लिए सुबह सात बजे से मतदान शुरू हो गया है। रीवा और कटनी में महापौर और पार्षद पद के लिए वोटिंग हो रही है। रीवा में दूसरे चरण का मतदान हुआ। 9 नगरीय निकायों के नगर परिषद गोविंदगढ़, गुढ़, सिरमौर, बैकुंठपुर, त्योंथर, मनगवां, सेमरिया, चाकघाट के साथ  डभौरा में नगरीय निकायों के 135 वार्डों में पार्षद पदों के लिए 838 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।  नगर परिषद गुढ़ में 75, गोविंदगढ़ में 58, मनगवां में 58 तथा डभौरा में 95 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।  इसी तरह नगर परिषद सिरमौर में 67, बैकुण्ठपुर में 66, सेमरिया में 63, चाकघाट में 55 तथा त्योंथर में 84 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  13 July 2022

balaghat,Lokayukta raids , manager in charge

बालाघाट। मध्य प्रदेश लोकायुक्त पुलिस की भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कार्यवाही सतत रुप से जारी है। आए दिन लोकायुक्त पुलिस काले धनकुबेरों का पर्दाफाश कर रही है। इसी क्रम में मंगलवार को जबलपुर लोकायुक्त टीम ने बालाघाट में आदिम जाति सेवा सहकारी समिति बिरसा के प्रभारी प्रबंधक के यहां छापामार कार्यवाही को अंजाम दिया। प्राथमिक जांच में ही लोकायुक्त टीम को एक करोड़ 41 लाख रूपये की संपत्ति मिली है। फिलहाल कार्यवाही जारी है। जानकारी के अनुसार ग्राम करौंदा बहेरा निवासी संतोष भगत पुत्र देवीलाल भगत आदिम जाति सेवा सहकारी समिति बिरसा में एक साल से प्रभारी प्रबंधक के पद पर पदस्थ है। इसके पूर्व वह राशन दुकान में सेल्समैन के पद पर पदस्थ रहा है, जिसके पास आय से अधिक संपत्ति पाए जाने की शिकायत जबलपुर लोकायुक्त को मिली थी। जांच में शिकायत सही पाये जाने के बाद मंगलवार सुबह पांच बजे लोकायुक्त टीम ने जबलपुर डीएसपी जेपी वर्मा के नेतृत्व में संतोष भगत के ठिकानों पर छापा मारा। जबलपुर लोकायुक्त को कार्रवाई में संतोष भगत के पास एक करोड़ 41 लाख रूपये की संपत्ति मिली है। जिसमें करौंदा में एक मकान, बिरसा में दो मकान और बालाघाट में एक मकान शामिल है। साथ ही बिरसा में एक होंडा मोटरसाइकिल का शोरूम भी है। इसके अलावा 6 लाख के घरेलू सामान मिले है। जबलपुर लोकायुक्त डीएसपी जेपी वर्मा ने बताया कि बिरसा तहसील के ग्राम करौंदा बहेरा में आदिम जाति सेवा सहकारी प्रभारी प्रबंधक संतोष भगत के पास में आय से अधिक संपत्ति पाई गई है। अभी तक की जांच में एक करोड़ 42 लाख की संपत्ति उजागर हुई है और अधिक संपत्ति होने की संभावना है। जिसकी जांच की जा रही है। संतोष भगत के खिलाफ अपराध क्रमांक 0/22 धारा 13(1)बी, 13(2) भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत आरोपित संतोष पिता देवीलाल भगत सहायक समिति प्रबंधक समिति करौंदा बहेरा तहसील बिरसा के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध किया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 May 2022

 Tiger hunt

शिकारियों के फंदे में फंसकर बाघ की मौत   वन विभाग के तमाम दावों के बावजूद मध्यप्रदेश में जानवरों के शिकार का सिलसिला जारी है  | अब कान्हा नेशनल पार्क में शिकारियों  ने एक बाघ का शिकार किया है |  शिकारियों ने फंदा लगाकर बाघ को मारा लेकिन वन अमला सोता रहा |    मध्यप्रदेश का वन अमला कैसे काम करता है ये किसी से छिपा नहीं है |  सरकार के कड़े  निर्देशों के बावजूद जंगल में जानवरों का शिकार किया जा रहा है  ... तजा मामला कान्हा नेशनल पार्क के बम्हनी खापा रेंज  का है जहाना एक 2 साल का बाघ मृत मिला | शिकारियों ने इस बाघ की जान ली है | शिकारियों ने कान्हा नेशनल पार्क के बम्हनी खापा रेंज में  बाघ को फंसाने के लिए फंदा लगाया  | लेकिन इसकी भनक तक वन अमले को नहीं लगी |  शिकारियों के फंदे में फंसकर बाघ की मौत हुई  | चिकित्सकों की टीम बाघ के शव का पोस्टमार्टम  किया और उसका शिकार किये जाने की पुष्टि की |  पार्क प्रबंधन  अब शिकारियों की तलाश कर रहा है | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 January 2021

 JAHREELI GAS

कुएं से निकल रही थी जहरीली गैस     कुएं में जहरीली गैस से एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत होने से क्षेत्र में हंगामा मच गया   सूचना  मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी है   बालाघाट के लांजी में एक दर्दनाक हादसा सामने आया है   यहां एक ही परिवार के तीन सदस्यों की जहरीली गैस से मौत हो गई  बताया जा रहा है की  ये तीनों लोग कुएं में उतरे थे   यहां पहले से ही जहरीली गैस का रिसाव हो रहा था   जब तक ये लोग कुछ समझ पाते, उससे पहले ही बेहोश हो गए   कुछ देर बाद तीनों की ही मौत हो गई  घटना की जानकारी मिलते ही इलाके में हंगामा मच गया  पुलिस ने घटनास्थल पहुंचकर जांच शुरू कर दी है  मृतकों की पहचान बेनीराम, जियाराम और विकास के रूप में हुई है  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  6 August 2019

TAKKAR

हादसे में बाइक सवार व्यक्ति की मौत बालाघाट बैहर रोड पर उकवा समनापुर के बीच बस ने एक बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में बाइक सवार व्यक्ति की मौत हो गई और महिला और बच्ची घायल हो गए। बस और बाइक की तेज टक्कर में एक साल की बच्ची को एक खरोंच तक नहीं आई। सभी लोग इसे चमत्कार मान रहे हैं। जानकारी के मुताबिक घनश्याम टेकाम(40) अपनी पत्नी वर्षा टेकाम और एक वर्षीय सीता के साथ बाइक पर जा रहे थे। इसी दौरान एक रास्ते से गुजर रही एक तेज रफ्तार बस ने उनकी गाड़ी को तेजी से टक्कर मार दी। घटना में मौके पर पही घनश्याम में दम तोड़ दिया और उनकी पत्नी वर्षा गंभीर रूप से घायल हो गईं। महिला को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 July 2019

balaghat

  पेड न्यूज को लेकर चुनाव आयोग अभी से काफी सतर्कता बरत रहा है। 2013 के विधानसभा चुनाव में सर्वाधिक 37 पेड न्यूज के मामले बालाघाट में सामने आए थे। कुल 486 शिकायतें हुई थीं, जिनमें 172 को सही पाते हुए खर्च उम्मीदवारों के खाते में जोड़ा गया। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने सभी कलेक्टर और रिटर्निंग ऑफिसरों को पेड न्यूज के मामले में सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि पिछले विधानसभा चुनाव में 486 पेड न्यूज की शिकायतें सामने आई थीं। जिला स्तरीय समिति ने 237 मामलों को पेड न्यूज मानकर प्रकरण पंजीबद्ध कर उम्मीदवरों को नोटिस थमाए थे। 17 मामलों में उम्मीदवारों ने पेड न्यूज को स्वीकार करते हुए खर्च खाते में शामिल करने की सहमति दी थी। वहीं, अपील आदि प्रक्रिया के बाद 155 मामलों को भी पेड न्यूज माना गया और खर्च निर्वाचन व्यय में जोड़ा गया। बालाघाट के बाद उज्जैन में 30, नीमच 18, रीवा 14, खंडवा 13, ग्वालियर 11, इंदौर 8, छतरपुर और कटनी में 6-6 और सतना में चार प्रकरण पेड न्यूज के बने थे। सत्तारूढ़ होने के बावजूद चुनाव के दौरान शिकायत करने में कांग्रेस से आगे भाजपा है। चुनाव आयोग के राष्ट्रीय पोर्टल पर भाजपा ने 46 शिकायतें दर्ज कराई हैं तो कांग्रेस 15 तक ही पहुंच सकी। पोर्टल पर कुल 781 शिकायतें दर्ज हुईं। इनमें से 507 का निराकरण हो चुका है और 274 लंबित हैं। वहीं, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में शिकायत देने की बात की जाए तो कांग्रेस बहुत आगे है। यहां कांग्रेस ने आचार संहिता लागू होने के बाद से अब तक 27 शिकायतें दी हैं तो भाजपा की ओर से मात्र आठ शिकायत ही की गईं। आम आदमी और समाजवादी पार्टी की ओर से एक-एक शिकायत दर्ज कराई गई हैं। बाकी 10 शिकायतें अन्य व्यक्तियों की ओर से की गई हैं।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 October 2018

महिला कृषक

महिला कृषकों के 1038 स्व-सहायता समूह गठित  मध्य प्रदेश में कृषि के क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिये पिछले वर्ष महिला कृषकों के 1038 स्व-सहायता समूह गठित किये गये। इन समूहों में महिला कृषकों के 437 अंतर्जिला प्रशिक्षण भी आयोजित किये गये। इसके अलावा 1555 महिला कृषकों को कृषि की उन्नत तकनीक अपनाने के लिये प्रशिक्षण दिलवाया गया। इस योजना पर पिछले वर्ष 4.50 करोड़ की राशि व्यय की गयी। इस वित्तीय वर्ष में इस योजना के लिये 6 करोड़ रुपये की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी है। मध्यप्रदेश में कृषि के क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के मकसद से किसान कल्‍याण एवं कृषि विकास विभाग द्वारा योजना शुरू की गयी है। योजना का उद्देश्य प्रदेश में महिला कृषकों के जीवन-यापन स्तर में सुधार लाना है। महिला कृषकों को कृषि की कम लागत की तकनीक चुनने, उसे समझने और अपनाने के योग्य बनाना भी है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 July 2017

 शिवराज के कृषि मंत्री चोर

खबर बालाघाट से । मध्यप्रदेश शासन के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन व बालाघाट-सिवनी सांसद बोधसिंह भगत के बीच मतभेद अब हर मंचीय कार्यक्रम में खुलकर सामने आने लगे है। कुछ दिन पूर्व ही दिव्यांग सामूहिक विवाह के दौरान उत्कृष्ट मैदान में सांसद ने सम्मान न करने पर सिर्फ गौरीशंकर बिसेन के परिवार का ही राज नहीं है अभी सांसद भी यहां पर मौजूद है कहकर मंच से ही नाराजगी व्यक्त की थी।सांसद से जब मंत्री बिसेन बदतमीजी पर उतर आये तो शिवराज सरकार के मंत्री को सांसद ने चोर तक कहा।  सांसद बोधसिंह भगत और प्रदेश के केबिनेट मंत्री गौरीशंकर बिसेन के बीच चल रहे मतभेद, गुटबाजी बुधवार को एक बार फिर सार्वजनिक मंच पर नजर आई। सार्वजनिक मंच पर ही सांसद और मंत्री के बीच हॉट-टॉक हो गई। अवसर था जिले के मलाजखंड मुख्यालय में आयोजित सबका साथ सबका विकास सम्मेलन का। सांसद बोधसिंह भगत जब समारोह को संबोधित कर रहे थे, तब उन्होंने एक मामले का उल्लेख किया। जिस पर जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अध्यक्ष राजकुमार रायजादा ने उसका खंडन किया। इसी बीच मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने भी सांसद बोधसिंह भगत से गलत बाद नहीं कहने की बात कही। इस दौरान सांसद-मंत्री के बीच तीखी नोक-झोंक हो गई। मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने जहां सांसद भगत को कहा कि बहुत देखे है ऐसे सांसद। वहीं इसके जवाब में सांसद ने भी मंत्री बिसेन को चोर मंत्री कह दिया। इसके बाद मंत्री गौरीशंकर बिसेन मंच छोड़कर चले गए। समारोह को जब मंत्री गौरीशंकर बिसेन संबोधित कर रहे थे, तभी एक भाजपा के कार्यकर्ता लखन बिसेन ने मलाजखंड को रोजगार नहीं दिए जाने की बात कही गई। जिसके बाद मंत्री बिसेन ने उस ग्रामीण को कार्यक्रम से बाहर किए जाने की बात कही। इसके बाद सांसद बोधसिंह भगत समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने अपने संबोधन में सबसे पहले उस भाजपा कार्यकर्ता का समर्थन किया, जिसमें उसने मलाजखंड के स्थानीय लोगों को रोजगार नहीं मिलने की बात कही थी। इसके बाद सांसद भगत ने यशोदा सीड्स नामक कंपनी के बीज के बिक्री होने का जिक्र किया। जबकि इस कंपनी के बीज पर प्रतिबंध लगाए जाने की बात कही। इसी बीच जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अध्यक्ष राजकुमार रायजादा ने भी इस कंपनी के बीज को प्रतिबंधित कर दिए जाने की बात कही। लेकिन सांसद ने कहा कि बाजार में आज भी इस कंपनी के बीज विक्रय हो रहा है। इसी बात को लेकर मंत्री और सांसद के बीच नोक-झोंक शुरु हो गई। कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन व सांसद बोधसिंह भगत के बीच विवाद की स्थिति बढ़ती देख भाजपा जिला अध्यक्ष रमेश रंगलानी, सुरजीतसिंह ठाकुर समेत अन्य भाजपा के पदाधिकारी व कार्यकर्ता बीच-बचाव के लिए आए और मंत्री और सांसद को दूर-दूर कराकर मामले को शांत कराया। इसी बीच मंत्री कार्यक्रम छोड़कर चले गए। लेकिन मंच पर मंत्री व सांसद के बीच एक बार फिर से हुए विवाद से भाजपा के अंदर चल मतभेद खुलकर सामने आए हैं। कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने कहा वे भारत सरकार के सांसद है, उन्हें सब कहने का अधिकार है। वो राज्य सरकार को कुछ भी बोल सकते है। रही बात कंपनी की तो अध्यक्ष राजकुमार रायजदा ने प्रतिबंध के कागज सौंपने की बात कहीं है। बालाघाट बीजेपी अध्यक्ष रमेश रंगलानी ने बताया कि मलाजखंड में आयोजित कार्यक्रम सबका साथ सबका विकास कार्यक्रम के दौरान सांसद व मंत्री के बीच हुई विवाद की स्थिति की जानकारी भोपाल स्तर पर भेज दी संगठन को भेज दी है। जांच के बाद निश्चित ही संगठन कार्रवाई करेगा।  सांसद बोध सिंह भगत ने कहा -बालाघाट जिले में यशोदा सीड्स कंपनी ने अमानक स्तर पर बीज की सप्लाई की थी, किसानों का बीज भी अंकुरित नहीं हो पाया था। पिछले साल इस कंपनी पर बैन लग गया था, लेकिन इस साल हटा दिया। इस मामले को लेकर मंच से किसानों को सावधान कराने का प्रयास किया था। इस बात पर कृषि मंत्री भड़क उठे और कार्यक्रम के दौरान हॉट-टॉक हो गई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 June 2017

विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा

अंत्योदय मेले में 28 करोड़ की सहायता राशि का वितरण  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सरकार विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा के कल्याण में कोई कसर बाकी नहीं रखेगी। बैगा समाज के कल्याण के लिए हरसंभव मदद करेगी। बैगा दम्पत्ति परिवार नियोजन अपनाना चाहे, तो कलेक्टर की अनुमति के बगैर उनके नसबंदी आपरेशन नहीं किये जायेंगें। बैगा संस्कृति एवं परम्पराओं के संरक्षण के लिए बैगा ओलंपिक अगले वर्ष और भी व्यापक स्वरूप में किया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान संत रविदास जयंती के अवसर पर बालाघाट जिले के बैहर में तीन दिवसीय बैगा ओलंपिक का शुभारंभ कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा बैहर में बैगा ओलंपिक के साथ ही तीन दिवसीय कृषि संगोष्ठी एवं स्वास्थ्य शिविर का शुभारंभ किया गया। किसान-कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रेखा बिसेन, सांसद श्री बोधसिंह भगत, विधायक श्री के.डी. देशमुख, डॉ. योगेन्द्र निर्मल, नागरिक एवं बड़ी संख्या में बैगा जनजाति के लोग उपस्थित थे। बैगा ओलंपिक में बालाघाट सहित मंडला, डिंडोरी, उमरिया, अनूपपुर, सिवनी, शहडोल, राजनांदगांव एवं नागालैंड के 6 सदस्यों का दल शामिल हुआ है। ध्वज फहरा कर किया शुभारंभ तीन दिनों के बैगा ओलंपिक के दौरान बैगा जनजाति के पारंपरिक खेलों का आयोजन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बैहर खेल परिसर मैदान में ओलंपिक मशाल जलाकर बड़ादेव की पूजा कर और ध्वज फहरा कर बैगा ओलंपिक का शुभारंभ किया। उन्होंने बैगा खिलाड़ियों को शपथ दिलवायी कि वे अनुशासित रहकर खेल भावना के साथ अपना प्रदर्शन करेंगें। श्री चौहान ने बैगा युवाओं की त्रिटंगी दौड़ एवं महिलाओं की मटका दौड़ का शुभारंभ भी करवाया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ओलंपिक के लिए जिला प्रशासन की सराहना करते हुए कहा कि यह बैगा संस्कृति का अद्भुत संगम है। बैगा संस्कृति निरंतर आगे बढ़े और उसकी परंपराएँ संरक्षित रहें इसके लिए बैगा संस्कृति के आधार पर बैहर में संग्रहालय की स्थापना की जायेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश सरकार ने समाज के सभी वर्गों के लिए शिक्षा की बेहतर सुविधाएँ उपलब्ध करवाई हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बैगा जनजाति के बच्चे भी खुशहाल जीवन जी सके, इसके लिए चतुर्थ श्रेणी के पदों पर बैगा जनजाति के पढ़े-लिखे युवाओं की सीधे भर्ती की जा रही है। इसके साथ ही उन्हें आत्म-निर्भर बनाने के लिए मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना में 10 लाख से 2 करोड़ तक का ऋण दिया जायेगा। भूमिहीन को बनाया जायेगा जमीन का मालिक मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश की धरती पर रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति को जमीन का मालिक बनाया जायेगा। प्रदेश के प्रत्येक व्यक्ति के पास रहने लायक जमीन रहना चाहिए। मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य होगा जो भूमिहीन व्यक्ति को जमीन देने के लिए पट्टा देने या सरकारी जमीन पर प्लाट काट कर देने का कानून बना रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में आवास बनाने के लिए गरीब व्यक्तियों को एक लाख 50 हजार रुपये की अनुदान राशि दी जा रही है।  बैहर में अस्पताल खोलने की घोषणा मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बैहर की पेयजल समस्या के लिए 10 करोड़ की और मलाजखंड पेयजल योजना के लिए 21 करोड़ 14 लाख की योजना को मंजूरी देने की घोषणा की। उन्होंने नगर पालिका मलाजखंड में शामिल कर दिये गये ग्राम बोरीखेड़ा और एक अन्य ग्राम को नगर पालिका से वापस कर उन्हें फिर से ग्राम पंचायत बनाने की घोषणा की। नगर पालिका मलाजखंड के लिए डेढ़ करोड़ से मोक्ष धाम बनाने, बालाघाट में हॉकी के लिए एस्ट्रो टर्फ बनाने, बैहर में अपर कलेक्टर का पद विशेष रूप से स्वीकृत करने, सियारपाट के दोनों तालाब बनाने, बैहर में 100 बिस्तर का अस्पताल बनाने एवं बैहर के कॉलेज में एम.एस.सी. की कक्षा अगले शिक्षण सत्र से प्रारंभ करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ओलंपिक में आये सभी नर्तक दलों को 5-5 हजार रुपये देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बैहर में नक्सली हिंसा में शहीद हुए जवान मनीष सिंह की प्रतिमा का अनावरण कर उनके परिवार को जमीन देने का आश्वासन दिया। बैहर में बैगा ओलंपिक एवं किसान सम्मेलन के साथ ही अंत्योदय मेले में 28 करोड़ की सहायता राशि का हितग्राहियों को वितरण किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमि-पूजन भी किया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 February 2017

gond

    मध्यप्रदेश सामान्य प्रशासन विभाग ने गोंड, गोवारी जाति के व्यक्तियों को जाति प्रमाण-पत्र जारी करने के प्रकरणों का परीक्षण कर निराकरण करने के निर्देश सभी जिला कलेक्टर को दिये हैं। इस संबंध में एक परिपत्र जारी किया गया है।   मध्यप्रदेश राज्य के लिए घोषित अनुसूचित जन-जाति की सूची के सरल क्रमांक 16 पर गोंड, गोवारी जाति अंकित है। सामान्य प्रशासन विभाग के 11 जुलाई 2005 के परिपत्र द्वारा अनुसूचित जाति, जन-जाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के व्यक्तियों को जाति प्रमाण-पत्र जारी करने की प्रक्रिया संबंधी निर्देश जारी किये गये हैं। कलेक्टरों से कहा गया है कि निर्देशों के अनुरूप प्राप्त आवेदन-पत्रों की जाँच कर गोंड, गोवारी समुदाय के लोगों को जाति प्रमाण-पत्र जारी किये जाये। विभाग ने यह भी स्पष्ट किया है कि जातियों की सूची में गोंड, गोवारी अलग-अलग हैं।   सामान्य प्रशासन विभाग ने 3 सितम्बर 2008 और 12 जनवरी 2012 तथा 11 जुलाई 2005 एवं 13 जनवरी 2014 के परिपत्रों में दिये निर्देशों का पालन करते हुए प्रकरणों का निराकरण करने को कहा है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 June 2016

naksali balaghat

    प्रदीप भाटिया बालाघाट पुलिस ने 30 हजार के इनामी  नक्सली लखन को दबिश देकर पकड़ा लिया है ,यह नक्सली पिछले दस साल से पुलिस की आँखों में धूल झोंक रहा है।    चैकी सुलसुली थाना लांजी अन्तर्गत ग्राम धीरी -मुरूम के जंगल में 10 वर्ष पूर्व दिनांक 21.02.2006 को 10 सशस्त्र नक्सलियों द्वारा बाॅस परिवहन में लगे 02 ट्रक जिनमें बाॅस भरा हुआ था को आग लगा दी जिससे करीब 30 लाख रूपये का नुकसान शासन को हुआ। उक्त घटना पर से थाना लांजी में अज्ञात नक्सलियों विरूद्ध अपराध क्रमांक 31/06 धारा 147, 148, 149, 435, 506 ताहि का पंजीबद्ध कर विवेचना की गई।   विवेचना के दौरान घटनास्थल निरीक्षण एवं फरियादी व साक्षियों से पूछताछ करने एवं मुखबिरों से पतारसी करने पर उक्त घटना में लखन उर्फ मोहन की संलिप्तता पाई गई। जिसकी पतारसी करने पर ज्ञात हुआ कि यह गोंदिया गढचिरोली तरफ सक्रिय है। जिसकी पुलिस को काफी समय से तलाश थी। वर्तमान में जिला बालाघाट में चलाये जा रहे सक्रिय नक्सल विरोधी अभियान के तहत सभी मुखबिरो पुलिस के जवानों को नक्सलियों की पतारसी हेतु लगाया गया एवं पूर्व के 02 माह से लगातार जंगल सर्चिंग की जा रही थी और जंगल में भ्रमण करने वाले शासकीय कर्मचारियों एवं प्रायवेट व्यक्तियों से लगातार नक्सलियों की गतिविधियों की जानकारी प्राप्त की जा रही थी और जिला बालाघाट की सीमा से लगे जिला गोंदिया, राजनांदगाॅव के पुलिस अधिकारियों एवं मुखबिरो से लगातार सूचना का आदान प्रदान किया जा रहा था। जिसके सार्थक परिणाम भी पुलिस को मिलना प्रारम्भ हुये है।  इसी नक्सल विरोधी अभियान के अन्तर्गत सूचना प्राप्त हुई कि फरार नक्सली लखन उर्फ मोहन पिता माखन कुम्हरे निवासी राजडोंगरी जिला गोंदिया का जो करीब 10 वर्षो से फरार होकर जिला गोंदिया, गढचिरोली (महाराष्ट्र) के क्षेत्रों में होने की पूर्व से सूचनाएं थी। जो अपने परिजनों से मिलने ग्राम देवरी जिला गोंदिया आने वाला है कि सूचना तस्दीक की गई। सूचना पुख्ता पाये जाने से फरार नक्सली को पकड़ने हेतु थाना लांजी से उपनिरीक्षक विकास खीची के नेतृत्व में पुलिस टीम रवाना की गई। जिन्होने प्राप्त सूचना को विकसित किया और जैसे ही नक्सली लखन उर्फ मोहन अपने परिजनो से मिलने आया तभी पुलिस पार्टी ने सावधानीपूर्वक एवं सजगता से उसे उसके निवास स्थान ग्राम देवरी जिला गोंदिया महाराष्ट्र से दिनांक 23.05.2016 को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की।  उक्त गिरफ्तार नक्सली के विरूद्ध जिला बालाघाट में हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, डकैती, आगजनी के 05 अपराध पंजीबद्ध है। छत्तीसगढ एवं महाराष्ट्र राज्य के जिलो से भी गिरफ्तार आरोपी पर पंजीबद्ध अपराधों के विषय में जानकारी ली जा रही है। गिरफ्तार आरोपी लखन उर्फ मोहन पिता माखन उर्फ बिरजु कुम्हरे उम्र 50 वर्ष निवासी राजडोंगरी जिला गोंदिया पर पुलिस महानिरीक्षक बालाघाट जोन बालाघाट द्वारा पूर्व से 30 हजार रूपये का ईनाम घोषित था। उपरोक्त आरोपी लखन उर्फ मोहन को गिरफ्तार करने में निरीक्षक राजेश पटेल, उनि0 विकास खीची, आर0 परम वरकड़े, आर0 चंचलेश यादव, आर0 दिनेश ठाकरे की महत्वपूर्ण भूमिका रही।   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 June 2016

naksali-bastar

   10 जनमिलिशिया सदस्य एवं 01 रेंज कमेटी सदस्य    विजय पचौरी  शासन की पुनर्वास एवं आत्म समर्पण नीति से प्रभावित, पुलिस द्वारा चलाये गये नक्सल विरोधी अभियान से दबाव में आकर व जनजागरण अभियान से प्रेरित होकर, समाज की मुख्य धारा में शामिल होने की इच्छा तथा आंध्रप्रदेश के बड़े नक्सली लीडरों की प्रताडऩा एवं भेदभाव से प्रताडि़त होकर 11 नक्सलियों ने कोंडागांव जिला पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। आत्मसमर्पित सभी माओवादी छत्तीसगढ़ के मूल निवासी हैं, जो थाना मर्दापाल एवं बयानार क्षेत्र में सक्रिय थे। समर्पणकर्ताओं में 10 जनमिलिशिया सदस्य एवं 01 रेंज कमेटी सदस्य हैं। बस्तर आईजी एसआरपी कल्लूरी एवं कोंडागांव एसपी जेएस वट्टी ने बताया कि बस्तर रेंज में लगातार चल रहे नक्सल विरोधी अभियान के तहत् बयानार पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। केन्द्रीय व राज्य सुरक्षा बलों  द्वारा चलाए जा रहे नक्सल विरोधी अभियान से नक्सली संगठन पर भारी दबाव बना हुआ है, वहीं सरकार की आकर्षक पुनर्वास एवं आत्मसमर्पण नीति से प्रभावित होकर समाज की मुख्यधारा में जुडऩे हेतु कुल 11 (10 पुरूष एवं 01 महिला) नक्सलियों रमलू सोरी, रामजी नेता, मधनसिंग सलाम, मिटकूराम उर्फ  झिटकू राम सलाम, दशरथ नेताम, ंिसगलू सोरी, गुदराम कोर्राम, कोहड़ी राम, रामू सलाम, जोलमा कोर्राम एवं रामजी सलाम उर्फ  मंदेर उर्फ  नवीन ने आत्मसमर्पण किया है। आत्मसमर्पित सभी नक्सली ग्राम बयानार, राजबेड़ा, एवं छोटे उसरी के जनमिलिशिया सदस्य हंै, जिनके विरूद्ध थाना मर्दापाल, बयानार में विभिन्न गंभीर प्रकृति के नक्सली अपराधों के तहत् आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं। आत्मसमर्पित नक्सलियों ने पुलिस को बताया कि आंध्र के नक्सली संगठनों द्वारा बस्तर की महिला नक्सलियों के साथ किये जा रहे लैंगिंक शोषण व अत्याचार से त्रस्त होकर हमने परिवारिक एवं सामाजिक जीवन से वंचित होने के कारण आत्मसमर्पण किया है और निकट भविष्य में अन्य नक्सली सदस्य आत्मसर्पण कर समाज की मुख्यधारा में जुड़ सकते हैं।                               

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  12 May 2016

प्रधानमंत्री जन-धन योजना में मप्र के लोगों की ज्यादा रूचि नहीं

केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी प्रधानमंत्री जन-धन योजना में मप्र के लोगों ने ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखाई। योजना के तहत खोले गए कुल बैंक खातों में से 60 प्रतिशत से अधिक खातों में कोई ट्रांजेक्शन (लेन-देन) नहीं हुआ। खाते जब से खुले हैं तब से खाली पड़े हैं। लोगों की ‘उपेक्षा’ ने बैंकों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। योजना के तहत प्रत्येक खाताधारक को एक लाख के बीमा सुरक्षा दी गई है जिसके लिए खाता खुलने के 45 दिनों के भीतर कम से कम एक बार ट्रांजेक्शन होना जरूरी है। प्रधानमंत्री जन-धन योजना के पहले चरण में मप्र में कुल एक करोड़ 20 लाख लोगों के बैंक खाते खुले हैं। यह खाते मार्च 2015 तक खोले गए थे। इस हिसाब से करीब 70 लाख लोगों ने अब तक अपने खातों की सुध नहीं ली है। हाल ही में राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की बैठक में इस मामले पर विभिन्न बैंकों के अधिकारियों ने चिंता जताई है। बैंक अधिकारियों का कहना कि योजना को लेकर आम लोगों में जागरुकता बढ़ाने की जरूरत है।प्रधानमंत्री जन-धन योजना दूसरे चरण में 9 मई को लांच की गई प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और अटल पेंशन योजना में 16 जून तक प्रदेश में 73 लाख 81 हजार लोगों का ही बीमा हो पाया। इससे पहले 9 जून तक यह आंकड़ा केवल 24 लाख 38 हजार था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

सतपुडा की रानी : पचमढ़ी

सतपुडा की रानी : पचमढ़ी म.प्र. के होशंगाबाद जिले में स्थित पचमढ़ी १०६७ मीटर ऊँचाई पर स्तिथ | यहाँ का तापमान सर्दियों में ४.५ डिग्री से. तथा गर्मियों में अधिकतम ३५ डिग्री से. होता हैं | यह मध्यप्रदेश का एकमात्र हिल स्टेशन हैं | यहाँ की विशेषता हैं कि आप यहाँ वर्ष भर किसी भी मौसम में जा सकता हैं | सतपुडा श्रेणियों के बीच स्थित होने के कारण और अपने सुन्दर स्थलों के कारण इसे सतपुडा कि रानी भी कहा जाता हैं | यहाँ घने जंगल, मदमाते जलप्रपात और पवित्र निर्मल तालाब हैं | यहाँ की गुफाएँ पुरातात्त्विक महत्त्व की हैं क्योंकि यहाँ गुफाओं में शैलचित्र भी मिले हैं | यहाँ की प्राक्रतिक संपदा को पचमढ़ी राष्ट्रिय उधान के रूप में संजोया गया हैं | यहाँ गौर, तेंदुआ, भालू, भैंसा तथा अन्य जंगली जानवर सहज ही देखने को मिल जाते हैं | इस क्षेत्र में घूमने के लिए आप पचमढ़ी से जीप या स्कूटर ले जा सकते हैं | जटाशंकर एक पवित्र गुफा हैं जो पंचमढ़ी कसबे से १.५ किमी दुरी पर हैं | यहाँ तक पहुचने के लिए आपको कुछ दूर तक पैदल चलने का आनंद उठाना पड़ेगा | मंदिर में शिवलिंग प्राक्रतिक रूप से बना हुआ हैं |यहाँ एक ही चट्टान पर बनी हनुमानजी की मूर्ति भी एक मंदिर में स्थित हैं | पास ही में हार्पर की गुफा भी हैं | पांडव गुफा महाभारत काल की मानी जाने वाली पॉँच गुफाएँ यहाँ हैं जिनमें द्रौपदी कोठरी और भीम कोठरी प्रमुख हैं | पुरातत्वविद मानते हैं कि ये गुफाएँ गुप्तकाल कि हैं जिन्हें बौद्ध भिक्षुओं ने बनवाया था | अप्सरा विहार से आधा किमी. कि दूरी पर स्थित हैं | ३५० फुट कि ऊँचाई से गिरता इसका जल एकदम दूधिया चाँदी कि तरह दिखाई पड़ता हैं | राजेन्द्र गिरी इस पहाडी का नाम राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद के नाम पर रखा गया हैं | डॉ. राजेन्द्र प्रसाद यहाँ आकर रुके थे | उनके लिए यहाँ रविशंकर भवन बनवाया गया था | इस भवन के चारों ओर प्रक्रति की असीम सुन्दरता बिखरी पड़ी हैं | हांडी खोह यह खाई है जो ३०० फिट गहरी है | यह घने जंगलों से ढँकी हैं और यहाँ कल-कल बहते पानी की आवाज़ सुनना बहुत ही सुकूनदायक लगता है | वनों के घनेपण के कारण जल दिखाई नहीं देता | पौराणिक सन्दर्भ कहते हैं कि भगवन शिव ने यहाँ एक बड़े राक्षस रूपी सर्प को चट्टान के निचे दबाकर रखा था | स्थानीय लोग इसे अंधी खोह भी कहते हैं जो अपने नाम को समर्थक करती हैं | यहाँ बने रेलिंग प्लेटफार्म पर से आप घटी का नज़ारा ले सकते हैं | प्रियेदार्शिनी प्वाइंट इस बिंदु पर से सूर्यास्त का द्रश्य बहुत ही लुभावना लगता हैं | तीन पहाडी शिखर बायीं तरफ चौरादेव, बीच में महादेव तथा दायीं और दायीं और धूपगढ़ दिखाई देते हैं | धूपगढ़ यहाँ कि सबसे ऊँची चोटी हैं | यह जमुना प्रताप के नाम से भी जाना जाता हैं | यह नगर से ३ किमी. कि दूरी पर स्थित हैं | मित्रों व् रिश्तेदारों के साथ पिकनिक मनाने के लिए यह एक आदर्श जगह हैं | अन्य आकर्षण यहाँ महादेव, चौरागढ़ का मंदिर, रिछागढ़, सुन्दर कुंड, इरन ताल, धूपगढ़, सतपुडा राष्ट्रिय उधान हैं | सतपुडा राष्ट्रिय उधान १९८१ में बनाया गया जिसका क्षेत्रफल ५२४ वर्ग किमी. हैं | यह प्राक्रतिक सौन्दर्य से भरपूर हैं यहाँ दिन या रात में रुकने के लिए आपको उधान के निदेशक से अनुमति लेना पड़ती हैं | इसके अलावा यहाँ कैथोलिक चर्च और क्राइस्ट चर्च भी हैं |

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

Video
Advertisement
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.