Since: 23-09-2009

  Latest News :
हमारे बहादुर सैनिकों की आक्रामक क्षमताओं को संभालता है योग : रक्षा मंत्री.   नीट की काउंसलिंग पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट का फिर इनकार.   तमिलनाडु जहरीली शराबकांडः बढ़ रही है मरने वालों की संख्या.   योग के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ी: मोदी.   एनईईटी पेपर लीक मामले में राहुल गांधी केंद्र सरकार पर हुए हमलावार.   ओबीसी आरक्षण को किसी भी कीमत पर नुकसान नहीं होने देंगे : मुख्यमंत्री शिंदे.   मप्र के तीर्थ यात्रियों की बस उत्तराखंड में गंगोत्री नेशनल हाईवे पर पलटी.   अंतर्राष्ट्रीय योग एवं विश्व संगीत दिवस की शुभकामनाएं .   इंदौर एयरपोर्ट को मिली बम से उड़ाने की धमकी.   मुख्यमंत्री निवास में सीएम ने बच्चों के साथ किया योग.   रीवा में एनएसयूआई कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन पुलिस ने लाठीचार्ज कर खदेड़ा.   ग्वालियर में तीन मंजिला मकान में आग लगी पिता और दो बेटियां जिंदा जले.   योग की प्राचीन परंपरा हम सभी को स्वस्थ जीवन पद्धति से जोड़ती है : मुख्यमंत्री साय.   जिला खनिज जांच दल ने अवैध गौण खनिज परिवहन कर रहे सात वाहन पकड़े.   योग अब वैश्विक संस्कृति का हिस्सा बन गई है : राज्यपाल हरिचंदन.   साइंस कॉलेज मैदान में 35 हजार लोगों ने एक साथ किया योग.   ग्रीन दुर्ग अभियान अंतर्गत वृक्षारोपण कार्यक्रम का शुभारंभ.   संत कबीर की जयंती पर परीक्षा का आयोजन अनुचित : नेता प्रतिपक्ष.  

गुना News


guna, young man, treated inhumanely

गुना। मध्य प्रदेश के गुना जिले में बंजारा समुदाय के एक युवक के साथ अमानवीयता‎ का मामला सामने आया है। उसके ही रिश्तेदारों ने उसका ‎अपहरण कर तीन दिन तक बंधक बनाकर रखा। उसे जूतों‎ की माला और महिलाओं के कपड़े पहनाए, मुंह पर कालिख‎ पोतकर बाल भी काट दिए। फिर उसे इसी हाल में पूरे‎ गांव में घुमाया। युवक का आरोप है कि उसके साथ मारपीट ‎करने के साथ उसे पेशाब भी पिलाई। मामले में सोमवार देर रात फतेहगढ़ थाना पुलिस ने सात आरोपितों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर मामले को जांच में लिया है।     फतेहगढ़ थाना प्रभारी कृपाल सिंह ने बताया कि पीड़ित युवक का नाम महेन्द्र सिंह फूल सिंह बंजारा है और वह राजस्थान का रहने वाला है। उसने घटना 22 मई की बताई है। पीड़ित युवक ने बताया कि वह खेतों में‎ घूरा (खाद) फेंकने का काम करता है। सोदान सिंह, गुमान ‎सिंह और ओमकार सिंह के साथ 10-12 लोग एक जीप में उसे ‎ले गए। इसके बाद बदन बंजारा, छोटू बंजारा, रमेश बंजारा, ‎तोफान बंजारा, प्रेम बंजारा, गेंदा सिंह, कालूराम, गुलाब और‎ मथरी बाई आदि ने मारपीट की। उसे महिलाओं के वस्त्र और जूतों की‎ माला पहनाई तथा पेशाब पिलाई।     पीड़ित महेंद्र ने पुलिस को बताया कि आरोपित उसे बीते बुधवार को किडनैप कर‎ पाटन, राजस्थान के झालावड़, अटरू आदि जगहों पर ‎घुमाते रहे। इसके बाद मारपीट के वीडियो डालकर‎ उसके परिजनों से 25 लाख रुपये मांगे। तीन दिन बाद उसके पिता 20 लाख रुपये की जमात भरकर आए, तब जाकर उन्होंने पीड़ित महेंद्र को शनिवार को छोड़ा। इसके बाद झागर चौकी पर गए‎ तो पुलिस ने कार्रवाई नहीं की, उल्टा पुलिस रुपये मांगे।     पीड़ित के ‎परिजनों ने बताया कि महेंद्र के चाचा की‎ ‎लड़की की शादी रमेश से हुई थी। उसने‎‎ दूसरी औरत रख ली तो उनकी लड़की‎‎ भाग गई। यह लोग उसके हाथ का खाना‎‎ नहीं खाते थे और मारपीट करते थे। इसकी‎ ‎भी हमने शिकायत की थी, इसीलिए यह ‎‎लोग धोखे से महेंद्र को ले गए और उसके ‎‎साथ इस तरह की बर्बरता की।   इस मामले में धरनावदा थाना प्रभारी राजेंद्र‎ चौहान का कहना है कि फरियादी झूठ ‎बोल रहा है। वह अपने जीजा के साथ ‎खुद चला गया था। इनका झगड़ा टूटना था‎ और उसके लिए पंचायत होनी थी। ‎पंचायत होती तो इन्हें लड़के वालों को रुपये ‎देने पड़ते। इससे बचने के लिए यह चाह ‎रहे हैं कि अपहरण की कायमी हो जाए। ‎वह खुद दूसरी पार्टी के साथ गया और‎ वहां उसके साथ मारपीट हो गई।     वहीं, गुना एसपी संजीव सिन्हा का कहना है कि मामला संज्ञान में आया है। ‎जब फरियादी मेरे पास आया तो‎ उसे पुलिस टीम के साथ‎ फतेहगढ़ थाना भेज दिया है।‎ उसके साथ मारपीट राजस्थान में‎ हुई है, लेकिन अपराध हमारे यहां ‎से शुरू हुआ है और उसका‎ अपहरण किया गया है। दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 May 2024

bhopal, Truck falls ,Guna, four killed

भोपाल। मध्य प्रदेश के गुना जिले में म्याना थाना क्षेत्र अंतर्गत आगरा-मुम्बई राष्ट्रीय राजमार्ग (एबी रोड) क्रमांक तीन पर सोमवार तड़के एक तेज रफ्तार मिनी ट्रक अनियंत्रित होकर पुलिया से नीचे जा गिरा। दुर्घटना में ट्रक में सवार चार लोगों की मौत हो गई, जबकि चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से घायलों को अस्पताल पहुंचाया। म्याना थाना प्रभारी संजीत माबई ने बताया कि हादसा सोमवार तड़के 3.30 बजे म्याना से आधा किलोमीटर दूर हुआ। मिनी ट्रक में छह मजदूरों के अलावा चालक और परिचालक सवार थे। शुरुआती जांच में पता चला है कि चालक को झपकी आने के कारण हादसा हुआ है। ट्रक की रफ्तार तेज होने के कारण वह डिवाइडर को तोड़ते हुए पुलिया से नीचे जा गिरा। हादसे में तीन मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। थाना प्रभारी ने बताया कि हादसे में मरने वालों की पहचान विष्णु (32) पुत्र रामपाल, मीर (30) पुत्र चोखेलाल, विकास (35) और रंजीत (25) पुत्र नत्थू सिंह के रूप में हुई है। वहीं, परिचालक शाहरुख, चालक अशोक, नवाब समेत चार लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं, जिन्हें गुना के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मजदूर उत्तर प्रदेश के कानपुर के बताए जा रहे हैं। चालक अशोक रायबरेली (उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है। उसे प्राथमिक उपचार के बाद ग्वालियर रेफर किया गया है। थाना प्रभारी के अनुसार, घायल और मृतक मजदूर कानपुर से कर्नाटक जा रहे थे। ट्रक में उनकी बाइक, खाना बनाने का सामान, कपड़े और दूसरा जरूरी सामान था। हादसे के बाद मृतकों और घायलों के परिजनों को सूचना दे दी गई है। वे लोग गुना के लिए रवाना हो गए हैं। घायल परिचालक ने पुलिस को बताया कि गाड़ी रायबरेली की है। मजदूर कालपी (जालौन, यूपी) से बैठे थे। सभी ट्रक में सो रहे थे, तभी यह हादसा हो गया। पुलिस ने हमें अस्पताल पहुंचाया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 May 2024

guna,  Love Jihad,  Hindu girl

गुना। मध्य प्रदेश के गुना में लव जिहाद के मामले में जिला प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है। हिंदू युवती के साथ दरिंदगी करने के आरोपित अयान पठान का घर रविवार को बुलडोजर चलाकर ढहा दिया गया। प्रशासन और पुलिस की टीम ने नानाखेड़ी पहुंचकर कार्रवाई की। शुक्रवार को टीम ने मौके पर जाकर मकान की जांच की थी। इसे अतिक्रमण कर बना पाया गया था। वहीं, हैवानियत की शिकार हुई युवती की एक आंख की रोशनी चली गई है। दरअसल, शहर के कैंट पुलिस थाने में पीड़ित 23 वर्षीय हिंदू यवती ने बीते बुधवार को आरोपित अयान पठान के खिलाफ केस दर्ज कराया था। पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार करने के बाद कोर्ट में पेश किया गया। इसके बाद अयान पठान के सरकारी जमीन पर बने मकान को हटाने के लिए नोटिस जारी किया गया था। रविवार को बुलडोजर के साथ पहुंची प्रशासन की टीम ने आरोपित के अवैध रूप से निर्मित मकान को ढहा दिया। कार्रवाई के दौरान गुना एसडीएम रवि मालवीय, एडिशनल एसपी मानसिंह ठाकुर सहित कई वरिष्ठ अधिकारियों के साथ पुलिस बल, राजस्व, नगरपालिका का अमला मौजूद था। गौरतलब है कि नानाखेड़ी क्षेत्र की रहने वाली 23 वर्षीय हिंदू युवती पर अयान पठान नामक युवक शादी के लिए दबाव बना रहा था। युवती ने शादी से इनकार कर दिया। इसके बाद उसने युवती को बंधक बनाकर एक महीने तक उसके जबरदस्ती करता रहा। इस दौरान उसने यवती के साथ क्रूरता और वहशीपन तमाम हदें पार करते हुए बेल्ट व लात-घूसों से उसकी पिटाई की। मारपीट करने के बाद अयान थक गया तो उसने पीड़ित युवती की आंख और जख्मों पर मिर्ची भर दी। उसके चिल्लाने पर आरोपित ने उसके मुंह में फेवीक्विक डाल दी। किसी तरह युवती जान बचाकर अपने घर पहुंची। उसे गंभीर हालत में अस्पताल भर्ती कराया गया। पीड़ित युवती ने पुलिस में दिए बयान में कहा था कि घर के पास रहने वाले अयान पठान ने उसे एक महीने तक बंधक बनाकर रखा। उस दौरान उसने कई यातनाएं दीं। आरोपित ने पीड़ित का शारीरिक शोषण किया, यही नहीं उसे यातनाएं देने के लिए जख्मों पर मिर्च और होंठ में फेवीक्विक भर दी थी। आरोपित उसका मकान हड़पना चाहता था। पीड़ित युवती के बयान दर्ज होने के बाद प्रशासन और पुलिस हरकत में आई और अयान को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। इधर, जानकारी मिली है कि हैवानियत की शिकार हुई युवती को गुना जिला अस्पताल से ग्वालियर रेफर कर दिया है। बताया रहा है कि पीड़ित की एक आंख की रोशनी चली गई है जबकि दूसरी आंख से भी कम दिखाई दे रहा है। दूसरी ओर पीड़ित युवती की मां ने आरोपित को फांसी की सजा देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि चार दिन बीत जाने के बाद भी बेटी के जख्म नहीं गए। वह ठीक से सो भी नहीं पा रही है। यह जख्म जिंदगी भर रहेंगे। उसे एक आंख से नहीं दिख रहा है। डॉक्टर ने कहा कि सिर्फ 10 प्रतिशत की आंखों की रोशनी लौटने की उम्मीद है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  21 April 2024

bhopal, Love Jihad ,brutalizing Hindu girl

भोपाल। मध्य प्रदेश के गुना जिले से लव जिहाद का खौफनाक मामला सामने आया है। एक मुस्लिम युवक ने लिव इन रिलेशनशिप में रहने वाली हिंदू युवती के साथ हैवानियत की सारी हदें पार दी। उसने युवती पर जबरन शादी और मकान की रजिस्ट्री का दबाव बनाया और जब युवती ने इनकार किया तो उसे बेरहमी से पीटा और उसके बाद जख्मों एवं आंख में मिर्च डाली। इतना ही नहीं चीखने पर उसके होंठों पर फेवीक्विक डाल दी। मामला गुना जिले के कैंट थाना क्षेत्र के नानाखेड़ी इलाके का है। यहां एक हिंदू लड़की को मुस्लिम युवक अयान पठान ने अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। लड़की की मां को इस रिश्ते से आपत्ति थी लेकिन वह मां से लड़कर अयान के पास पहुंच गई। अयान ने अपने ही घर में उसे महीनेभर से ज्यादा समय तक बंधक बनाकर रखा। इस दौरान वह हिंदू लड़की से संबंध बनाता और उसके साथ जमकर मारपीट करता। अयान पठान बात-बात पर उसके साथ मारपीट करता। इतना ही नहीं, उसने युवती को बेल्ट से मारने से पहले उसके होंठ फेवीक्विक से चिपकाए, ताकि वो चीख ना पाए। यही नहीं, वो मारपीट से बने घावों पर लाल मिर्च डाल देता था। किसी तरह से लड़की अपनी जान बचाकर अपने घर पहुंची, तब जाकर इस मामले का खुलासा हुआ। पुलिस ने दरिंदगी की शिकार पीड़ित युवती को अस्पताल में भर्ती कराया है। फिलहाल उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। पुलिस ने पीड़ित युवती के बयान के बाद केस दर्ज कर आरोपित अयान को गिरफ्तार कर लिया है। गुना एसपी संजीव कुमार ने शुक्रवार को बताया कि आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। युवती के बयान के आधार पर आगे जो कार्रवाई बनेगी, वह की जाएगी।‎ उन्होंने बताया कि जब पुलिस ने उसके घर छापा मारा तो कैन में 60 लीटर शराब भी मिली है, जिसे जब्त कर आबकारी एक्ट के तहत भी केस दर्ज कर लिया गया है। शुक्रवार को आरोपित को अदालत में पेश कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। यह पूरा मामला गुना के कैंट थाना क्षेत्र का है। 23 साल की युवती अपनी मां के साथ रहती है। युवती के पिता की मौत ‎हो चुकी है और भाई-बहन भी नहीं हैं। उसे घर के पास में ही रहने वाले मुस्लिम युवक अयान पठान से प्यार हो गया था लेकिन अयान के दूसरे धर्म का होने के कारण इस रिश्ते से युवती की मां को आपत्ति थी। इसके बाद दोनों शिवपुरी में लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगे थे। कुछ दिन दोनों की बीच सब ठीक रहा, लेकिन उसके बाद अयान का व्यवहार बदल गया। वह युवती पर जबरन शादी का दबाव बनाने लगा। इतना ही नहीं मकान की रजिस्ट्री उसके नाम करने को कहने लगा। युवती ने इनकार कर दिया, तो उसे एक महीने घर में कैद करके रखा। उसके साथ मारपीट और जबरदस्ती करने लगा। बीते मंगलवार को उसे बेरहमी से पाइप और बेल्ट से पीटा, उसके बाद चोटों और आंखों में मिर्च डाली और लड़की के चीखने पर उसके मुहं में फेवीक्विक डाल दी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 April 2024

bhopal, Bees attack ,wedding ceremony

भोपाल। मध्य प्रदेश के गुना शहर के एक मैरिज गार्डन में शादी समारोह में आए लोगों पर मधुमक्खियों ने हमला कर दिया। हादसे में वर और वधु पक्ष के 20 लोग घायल हो गए। इनमें की हालत गंभीर हैं, जिन्हें निजी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया है।   जानकारी के अनुसार, शहर के कस्तूरी गार्डन में रविवार को दिन में स्थानीय निवासी प्रमोद कुमार अग्रवाल की बेटी प्रियंका के विवाह से संबंधित रस्में चल रही थीं। इस दौरान वर-वधू पक्ष के सैकड़ों लोग गार्डन में जमा थे। तभी अचानक छत्तों से निकलकर मधुमक्खियों ने मेहमानों को डंक मारना शुरू कर दिया। मधुमक्खियों का हमला होते ही गार्डन में भगदड़ शुरू हो गई। कुछ लोग जमीन पर लेट गए, कोई एबी रोड की तरफ भागा तो अधिकांश मेहमानों ने खुद को गार्डन में स्थित हॉल और कमरों में बंद कर दिया। करीब एक घंटे तक मधुमक्खियों ने गार्डन परिसर में भिनभिनाना जारी रखा। जो लोग अपने आपको सुरक्षित नहीं कर पाए, उन्हें मधुमक्खियों ने डंक मारकर घायल कर दिया। हादसे के बाद विवाह आयोजकों ने स्वयं के जख्मों की परवाह न करते हुए घायल मेहमानों को अस्पताल पहुंचाना शुरू किया। जहां चिकित्सकों ने दो लोगों की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें आईसीयू में भर्ती कराने की सलाह दी।   घटनाक्रम के बाद शादी-समारोह के मेजबान ने दावा किया है कि उन्होंने गार्डन किराए पर लेते ही संचालक को इस बारे में आगाह किया था, लेकिन उनकी बात को नजरअंदाज कर दिया। घटना के बाद भी गार्डन संचालक ने गलती मानने की बजाए उन्हें धमकाया और प्रशासन से किसी भी स्तर पर शिकायत करने की चेतावनी दी। घटनाक्रम की वजह से विवाह आयोजक काफी आक्रोशित हैं। मधुमक्खियों के हमले की वजह से विवाह समारोह अस्त-व्यस्त हो गया है। रविवार की रात ही बारात का आगमन और पाणिग्रहण संस्कार सहित रिसेस्पशन होना था, लेकिन घटनाक्रम के बाद यह सभी कार्यक्रम अब गार्डन की बजाए एक बड़े हॉल में शिफ्ट कर दिए गए हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 February 2024

guna, Former Congress MP,Laxman Singh , great leader

गुना। कांग्रेस के पूर्व सांसद और पूर्व मुुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के छोटे भाई लक्ष्मण सिंह एक बार फिर अपने बयान को लेकर चर्चा में हैं। इस बार उन्होंने राहुल गांधी को लेकर बडा बयान दिया है। गुना में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि- राहुल गांधी को आप भी बड़ा नेता मत मानिए, मैं तो नहीं मानता।" 'राहुल गांधी को बड़ा नेता मत मानिए मैं तो नहीं मानता हूं। राहुल गांधी एक साधारण पार्टी कार्यकर्ता और सांसद हैं और उन्हें इतना प्रचारित नहीं किया जाना चाहिए।'     दरअसल पूर्व सांसद लक्ष्मण सिंह शनिवार को गुना पहुंचे थे। उन्हें प्रभारी कलेक्टर से मिलना था। अपॉइंटमेंट भी लिया था, लेकिन तय समय पर जब लक्ष्मण सिंह पहुंचे, तो प्रभारी कलेक्टर नहीं मिले। लक्ष्मण सिंह गुना बस हादसे में मारे गए लोगों की सहायता के लिए मदद राशि का चेक सौंपने के लिए आये थे। इसी दौरान एक सवाल पर लक्ष्मण सिंह ने कहा कि, "राहुल गांधी एक सांसद हैं, वे (पार्टी) अध्यक्ष नहीं हैं और एक कांग्रेस कार्यकर्ता हैं। इससे ज्यादा राहुल गांधी कुछ भी नहीं हैं। उनको इतना हाईलाइट नहीं करना चाहिए।''   पत्रकारों ने जब उनसे कहा कि लोकसभा में बयान देते वक्त कांग्रेस सांसद राहुल गांधी का चेहरा टीवी पर कम दिखाया जाता है, तो लक्ष्मण सिंह ने कहा कि राहुल गांधी एक साधारण सांसद हैं जैसे पार्टी के बाकी सांसद हैं। मीडिया को राहुल गांधी को इतना हाईलाइट नहीं करना चाहिए। लक्ष्मण सिंह ने यह भी कहा कि कोई इंसान जन्म से नहीं बल्कि अपने कर्मों से बड़ा बनता है। मैं राहुल गांधी को इतना बड़ा नेता नहीं मानता, आप भी मत मानो। वे एक साधारण सांसद हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप उन्हें हाईलाइट करते हैं या नहीं।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 December 2023

guna, MP, 13 people burnt alive

गुना। जिले के बजरंगगढ़ थाना क्षेत्र में बुधवार रात दोहाई मंदिर के पास एक डंपर की टक्कर के बाद बस में लगी आग में 12 लोग जिंदा जल गए। डंपर के चालक की भी आग की चपेट में आने से मौत हो गई। जिला प्रशासन ने इसकी पुष्टि की है। हादसे में करीब 16 लोग झुलस गए, जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानकारी के अनुसार, सिकरवार ट्रेवल्स की बस बुधवार रात आठ बजे गुना से आरोन जा रही थी। 32 सीटर बस में 30-35 यात्री सवार थे। रात करीब साढ़े आठ बजे आरोन रोड पर बजरंगगढ़ में दुहाई मंदिर के पास यह हादसा हुआ। घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने बताया कि बस और डंपर में टक्कर के बाद बस पलट गई और उसमें आग लग गई। देखते ही देखते आग ने पूरी बस को अपनी चपेट में ले लिया। घटना के बाद मौके पर चीख-पुकार मच गई। कई यात्रियों ने बस के दरवाजे, खिड़की से कूद कर जान बचाई। लोगों ने पुलिस को सूचना दी। कुछ देर बाद मौके पर पुलिस और फायर ब्रिगेड की गाड़ियां पहुंची, लेकिन तब तक बस भीषण आग की चपेट में थी। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर आसपास के लोगों की भीड़ लग गई। पुलिस ने मौके पर मौजूद लोगों की मदद से बस में फंसे लोगों को बाहर निकालने की कोशिश की, लेकिन बस में आग इतनी तेजी से फैली कि कुछ लोगों को बाहर निकलने का मौका ही नहीं दिया। जानकारी मिलते ही गुना कलेक्टर तरुण राठी और पुलिस अधीक्षक विजय खत्री भी घटनास्थल पर पहुंच गए और घायलों को एंबुलेंस और अन्य वाहनों से जिला अस्पताल पहुंचाया। 7 शव एक-दूसरे से चिपक गए थे   हादसे की भयावहता इसी से समझा जा सकता है कि शव उठाने के दौरान अंग अलग होकर गिर रहे थे। हादसे में कुल 13 लोगों की मौत हुई है। बस के अंदर से जो शव निकाले गए, उनमें सात एक-दूसरे से चिपके हुए थे। इनको बाहर निकालने तक में कर्मचारियों के हाथ कांप रहे थे। शव ऐसे जले कि उनकी पहचान करना मुश्किल है। पुलिस अधीक्षक विजय खत्री ने बताया कि बजरंगगढ़ थाना क्षेत्र में बस में बुधवार रात साढ़े आठ बजे के करीब आग लगने की घटना हुई, जिसमें कई लोग गंभीर रूप से झुलस गए हैं। बस में सवार 16 लोगों को गंभीर हालत में जिला अस्पताल लाया गया है। वहीं, 13 लोगों की जलने की वजह से मौत हो गई है। शवों को निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल पहुंचाया गया है। आग से बस पूरी तरह जलकर खाक हो गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। मुख्यमंत्री ने दुर्घटना की जांच के आदेश दिए   मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने बस दुर्घटना की जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने परिवहन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि इस तरह की दुर्घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को बस दुर्घटना में मृतकों के परिवारों को 4-4 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की सहायता देने के निर्देश दिए हैं। गुना कलेक्टर तरुण राठी ने बताया कि गुना-आरोन मार्ग पर डंपर और बस की टक्कर होने से बस में आग लग गई। आगे की जांच जारी है। मृतकों की पहचान नहीं हुई है। अस्पताल में भर्ती कई की हालत गंभीर है। हमारी प्राथमिकता शवों को बरामद करना और घायलों का इलाज करना है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  28 December 2023

guna, hitting car, truck overturned

गुना। मध्य प्रदेश के गुना में मंगलवार सुबह एक भीषण सड़क हादसे में चार लोगों की मौत हो गई। यहां कबाड से भरे एक तेज रफ्तार ट्रक ने कार को टक्कर मारने के बाद उसके ऊपर पलट गया। दर्दनाक हादसे में कार सवार पति-पत्नी और बेटी समेत 4 लोगों की मौत हो गई, जबकि दो लोग गंभीर घायल हो गए हैं। बताया गया है कि सुबह घना कोहरा था। इसी बीच अचानक सामने कोई वाहन आने से ट्रक चालक ने ब्रेक लगाए, जिससे नियंत्रण खोकर उसी दिशा में जा रही कार पर पलट गया।   कैंट थाना प्रभारी पंकज त्यागी ने बताया कि राजगढ़ जिले के सारंगपुर के तारागंज का परिवार भिंड जिले के लहार में मकान के उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल होने जा रहा था। सभी लोग तड़के 4 बजे कार से लहार के लिए रवाना हुए थे। इस दौरान बायपास पर ढाबे के पास सुबह करीब 6.30 बजे एक जेसीबी क्रॉस कर रही थी। इस वजह से ड्राइवर ने कार रोड से नीचे उतारकर खड़ी कर दी। जेसीबी क्रॉस हो जाने पर ड्राइवर ने कार को जैसे ही सड़क पर चढ़ाया, तभी पीछे आ रहा ट्रक टकराकर कार पर ही पलट गया। हादसे में रामप्रकाश (40), पत्नी गीता बाई (35), बेटी रोशनी (15) और जय देवी (45) की मौत हो गई। भाई-बहन सुमित और राखी घायल हैं। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया। इसके साथ ही क्रेन बुलाकर ट्रक और कार को सड़क से हटाकर रास्ता साफ कराया जा रहा है। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।एसपी विजय कुमार खत्री भी मौके पर पहुंचे। ट्रक में कागज की रद्दी भरी हुई थी। कमानी टूटने की वजह से ट्रक कार पर पलटा। इसके ड्राइवर और क्लीनर घटनास्थल से भाग गए। कैंट टीआई पंकज त्यागी ने बताया कि परिवार मूल रूप से लहार के भीकमपुर (जिला भिंड) का रहने वाला है। मृतक रामप्रकाश पोस्ट मेट्रिक छात्रावास सारंगपुर (राजगढ़) में चौकीदार थे। इसीलिए परिवार यहां रहता था। वह झमुआ (लहार, भिंड) में बुआ जमुना बाई के यहां मकान के उद्घाटन में जा रहे थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 December 2023

guna, Everything was missing, Narendra Modi

गुना। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में विकास का जो मॉडल विकसित किया था, वो था लापता मॉडल। बिजली-लापता, सड़क-लापता, पानी-लापता, रोजगार-लापता, गरीबों का घर लापता। कांग्रेस के लापता मॉडल में विकास भी लापता था। कांग्रेस राज में नौजवानों के भविष्य लापता था। कांग्रेस राज में किसानों का कल्याण लापता था।     प्रधानमंत्री मोदी बुधवार को गुना में तीन जिलों-गुना, अशोकनगर और शिवपुरी के भाजपा उम्मीदवारों के समर्थन में आयोजित आमसभा को संबोधित कर रहे थे। जनसभा में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा भी मौजूद रहे। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने नीतीश कुमार के बयान को भद्दा बताते हुए कहा कि घमंडिया गठबंधन के बड़े नेता कितना नीचे गिरेंगे।   इससे पहले प्रधानमंत्री ने मंच पर आते ही अपने चिरपरिचित अंदाज में जनता का अभिवादन करते हुए कहा कि ग्वालियर-चंबल का मूड ऊर्जा से भरा हुआ है। आपको यह याद रखना है कि जहां-जहां कांग्रेस सरकार होती है, वहां वो हर योजना पर रोड़े अटकाती है। जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी, तब मप्र की भाजपा सरकार के साथ भेदभाव किया जाता था। लेकिन 2014 में आपने हमें सेवा का मौका दिया।       उन्होंने कहा कि डबल इंजन की सरकार बनने के बाद मप्र के विकास ने असली तेजी पकड़ी है। आज मध्य प्रदेश में एक तरफ डबल इंजन की सरकार है, तो दूसरी तरफ कांग्रेस के डबल डेंजर लोग हैं। एक इंजन केंद्र का और एक इंजन भाजपा की राज्य सरकार का मतलब मप्र का तेजी से डबल विकास। यहां लोगों की कमाई तेजी से बढ़ रही है। मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने दशकों तक सरकार चलाई, लेकिन नौजवानों ने वो दिन नहीं देखे जब कांग्रेस ने मध्यप्रदेश को गड्ढे में डाल दिया था।       उन्होंने कहा कि गेहूं-दाल-तिलहन के किसानों के लिए बड़ी-बड़ी बातें करते थे, लेकिन उनकी उपज टोकन से खरीदी जाती थी। एक तरफ अनाज पड़े-पड़े सड़ जाता था, दूसरी तरफ भुखमरी से निपटने का भी कोई विजन नहीं था। भाजपा सरकार के प्रोत्साहन से अन्न उत्पादन का रिकॉर्ड बना। कोरोना के समय जब चारों और स्थिति खराब थी तो मैं हर समय सोचता था कि किसी गरीब का चूल्हा बुझना नहीं चाहिए। आपके बेटे ने अन्न के भण्डार खोल दिए। 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन देना शुरू किया।   प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस कह रही है मेरे खिलाफ इलेक्शन कमीशन में शिकायत करेगी। क्या मुझे इनसे डर जाना चाहिए। क्या मुझे अपने निश्चय को बदल लेना चाहिए। मैं कांग्रेस को कहना चाहता हूँ कि मुझे रोकने के लिए आप किसी भी अदालत में चले जाइए, मैं जनता की अदालत में खड़ा हूँ। मैं अपने संकल्प से पीछे नहीं हटूंगा।   उन्होंने कहा कि केंद्र ने भारत आटा ब्रांड नाम से मध्यम वर्ग के लिए योजना चलाई है। जगह-जगह जन औषधि केंद्र में 80 प्रतिशत डिस्काउंट पर दवाई दी जा रही है। उड़ान योजना के तहत हवाई चप्पल पहनने वाला भी हवाई जहाज में सफर कर रहा है। घरों में रसोई तक पाइप से गैस की व्यवस्था भी भविष्य में की जाएगी। इससे रसोई गैस और सस्ता होगा।   प्रधानमंत्री मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान को लेकर विपक्षी गठबंधन में जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि आईएनडीआईए गठबंधन के नेता ने विधानसभा में ऐसी भाषा का उपयोग किया, जिसकी कोई कल्पना नहीं कर सकता। इतना ही नहीं, आईएनडीआईए गठबंधन के किसी नेता ने इस पर एक शब्द नहीं कहा। जो महिलाओं के प्रति ऐसी सोच रखते हैं, क्या वो महिलाओं का विकास कर सकते हैं। देश का कैसा दुर्भाग्य आया, कितना नीचे गिरोगे। दुनिया में देश का कितना अपमान कराओगे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 November 2023

guna, FIR registered ,Mamta Meena

गुना। मप्र में विधानसभा चुनाव से पहले गुना जिले की चाचौडा विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी की प्रत्याशी ममता मीणा की मुश्किल बढ़ गई है। ममता मीणा और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ रविवार को मामला दर्ज हुआ है। इन सभी के ऊपर मारपीट और अपहरण का आरोप लगा है।   जानकारी अनुसार लखनवास गांव के रहने वाले पहलवान मीणा (27 वर्ष) ने ममता मीणा और उनके परिवार पर मारपीट का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि शनिवार देर रात तीन बजे मधुसूदनगढ़ से बीनागंज लौट रहे थे। उसी समय ताखेड़ी गांव के पास ममता मीणा के पति रघुवीर मीणा, बेटे आकाश मीणा, देवर, भतीजे और अन्य लोगों ने रोक कर गाड़ी में तोड़फोड़ की। उनके साथी सुरेन्द्र मीणा को जबरन गाड़ी में बैठाकर अपने साथ ले गए। उनका तब से कोई पता नही है। शिकायत के आधार पर पुलिस ने ममता मीणा उनके पति और बेटे समेत कुल 12 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और आगे की पड़ताल में जुट गई है।   गौरतलब है कि टिकट नहीं मिलने से नाराज ममता मीणा ने भाजपा पार्टी से इस्तीफा देकर आम आदमी पार्टी की सदस्यता ले ली थी। जिसके बाद आम आदमी पार्टी ने उन्हें चाचौडा से अपना उम्मीदवार बनाया है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 November 2023

guna, Hindu organizations protest ,private school

गुना। शहर के एक निजी स्कूल में हिजाब पहनी छात्राओं का एक वीडियो सामने आने के बाद हिंदू संगठनों ने जमकर हंगामा कर दिया। शुक्रवार को उन्होंने स्कूल में नारेबाजी करते हुए जमकर प्रदर्शन किया। सूचना मिलते ही तहसीलदार और गुना कैंट थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और मामले को शांत कराया।     दरअसल, स्कूल में एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में बच्चियों ने हिजाब पहनकर डांस परफॉर्मेंस दी थी। इसका वीडियो शुक्रवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो सामने आने के बाद हिंदूवादी संगठनों ने बच्चियों के हिजाब पहनने पर आपत्ति जताते हुए स्कूल के खिलाफ प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि शिक्षा के मंदिर में विशेष धर्म का प्रचार किया जा रहा है। स्कूल के संचालक हिन्दू धर्म से आते हैं, इसके बावजूद भी वहां ऐसा कार्यक्रम हुआ। पुलिस ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद मामला शांत हुआ।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 September 2023

guna, Truck running , roadside

गुना। गुना शहर के बाइपास पर रविवार तड़के एक तेज रफ्तार ट्रक ने सड़क किनारे बैठी सात गायों का रौंद दिया। घटना में छह गायों की मौत हो गई। एक गाय गंभीर रुप से घायल है। सूचना मिलते ही कैंट पुलिस मौके पर पहुंची। नगर निगम की सहायता से गायों को हटाया गया और घायल गाय को इलाज के लिए कैंट गौशाला भिजवाया गया है।     जानकारी अनुसार घटना रविवार तड़के करीब 4 बजे की है। गुना बाइपास पर आरटीओ कार्यालय के आगे एक ढाबे के सामने गायें बैठी हुई थीं। इस दौरान अंधी रफ्तार से दौड़ रहा एक ट्रक गायों को कुचलते हुए निकल गया। हादसे में छह गायों की मौत हो गई, जबकि एक गंभीर रूप से घायल है। सूचना मिलते ही कैंट पुलिस मौके पर पहुंची। नगर पालिका की टीम को भी बुला लिया गया। घायल गाय को इलाज के लिए कैंट गोशाला भिजवाया गया है। पुलिस ने ट्रक चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  2 July 2023

guna, speeding car , killing father and son

गुना। जिले के रुठियाई थाना क्षेत्र अंतर्गत राष्ट्रीय राजमार्ग-46 पर पर शनिवार अलसुबह एक भीषण सड़क हादसा हो गया। बताया जा रहा है कि एक एक तेज रफ्तार कार आगे जा रहे ट्रक में पीछे से जा घुसी। इस हादसे में कार का अगला हिस्सा पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया और उसमें सवार दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं तीन लोग घायल हो गए। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका उपचार किया जा रहा है। मृतक पिता-पुत्र बताए जा रहे हैं। कार सवार परिवार उज्जैन का रहने वाला था।     जानकारी के अनुसार, उज्जैन का एक परिवार कानपुर में पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए गया था। वहां से लौटते समय शनिवार को सुबह 5:30 बजे यह हादसा हो गया। बताया जा रहा है कि रुठियाई थाना क्षेत्र उनकी कार से आगे चल रहे ट्रक चालक ने अचानक ब्रेक लगा दिया, जिससे कार अनियंत्रित होकर ट्रक में पीछे से टकरा गई। हादसा इतना भीषण ता कि कार का अगला हिस्सा पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। हादसे में उज्जैन निवासी सुभाष सलूजा और उनके बेटे हरीश सलूजा की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, सुभाष के बेटे अमित और पवन, सुभाष के भाई केवल सलूजा घायल हुए हैं। तीनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है और फिलहाल मामले की जांच जारी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 June 2023

guna, Controversy ,youth injured

गुना। गुना जिले के धरनावदा क्षेत्र में दो दिन पहले चुनावी रंजिश में हुए विवाद में घायल हुए एक युवक की गुरुवार रात अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। शुक्रवार सुबह गुस्साए परिजनों और समाज के लोगों ने अस्पताल में हंगामा कर दिया। हंगामा कर रहे लोगों ने नेशनल हाईवे -46 पर चक्काजाम करते हुए बस में तोड़फोड़ कर दी। उग्र भीड़ ने बस मेें तोड़फोड़ करते हुए आग लगाने की भी कोशिश की। इस दौरान समझाइश देने गई पुलिस पर पथराव कर दिया। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। पुलिस ने 10 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया है। एक दर्जन बाइक और ट्रैक्टर-ट्रॉली भी जब्त की हैं। मौके पर एसडीएम पीएसपी सहित कई थानों का पुलिस बल मौजूद है। परिजनों की मांग है कि आरोपितों के घर तोड़े जाएं, तभी वह पोस्टमार्टम होने देंगे। उल्लेखनीय है कि सौंठी गांव के रहने वाले लक्ष्मीनारायण (26) पुत्र प्रेमसिंह यादव बुधवार रात बारोदिया कला गांव में आयोजित शादी समारोह से लौट रहा था। उसके साथ मोहर सिंह भी था। रास्ते में एबी रोड पर सूकेट गांव के कुछ लोगों ने उन्हें रोक लिया। पंचायत चुनाव की रंजिश पर दोनों के साथ मारपीट की गई। इसमें लक्ष्मीनारायण और मोहर सिंह घायल हो गए। दोनों को इलाज के लिए गुना लाया गया। यहां गुरुवार रात को लक्ष्मीनारायण यादव ने दम तोड़ दिया। लक्ष्मीनारायण की मौत की खबर सुनकर अस्पताल में लोगों की भीड़ जमा हो गई। शुक्रवार सुबह बड़ी संख्या में समाज के लोग अस्पताल पहुंच गए। उन्होंने आरोपियों के घर तोड़ने की मांग कर हंगामा कर दिया। काफी देर हंगामा करने के बाद लोग कोतवाली पहुंचे, जहां एसपी को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान लोग दो धड़ों में बंट गए। कुछ लोग कोतवाली में ही रुके रहे और बाकी जयस्तंभ चौराहे पर आ गए। जयस्तंभ चौराहे पर एक घंटे जाम लगाने के बाद वे करीब पांच किलोमीटर दूर नेशनल हाईवे-46 पर आ गए। यहां एक यात्री बस को रोककर उसमें तोड़फोड़ की। इस दौरान बस में सवार यात्री किसी तरह वहां से भागे। बस में तोड़फोड़ को रोकने गई पुलिस पर भी प्रदर्शनकारियों ने हमला कर दिया। प्रदर्शन करने वालों ने पुलिस पर पत्थर भी फेंके। बचाव में पुलिस ने भी लाठीचार्ज कर दिया। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठियां भांजीं। अभी मौके पर एसडीएम सीएसपी, टीआई समेत अन्य पुलिस बल मौजूद हैं। इस संबंध में सीएसपी श्वेता गुप्ता ने हिस को बताया कि मामले में हत्या की धारा बढ़ा दी गई है। साथ ही दो आरोपियों को पकड़ लिया गया है। पुलिस की पांच टीमें आरोपियों की तलाश के लिए रवाना की गई हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 May 2023

फर्नीचर की दुकान

अपने फर्नीचर को दुकानों पर बिकते देखा होगा, लेकिन गुना जिला अस्पताल में इन दिनों फर्नीचर की दुकान सज गयी है। टीबी अस्पताल की बिल्डिंग से निकले स्क्रैप को यहां लाइन से लगाकर रख दिया गया है और उस पर लिख दिया गया- "यह सामान बिकाऊ है।" इसके नीचे संपर्क करने के लिए एक नंबर भी लिखा हुआ है। कायदे से स्क्रैप में निकले सामान की विधिवत नीलामी होती है, लेकिन यहां ऐसा न करके खुले में ही उसे बेंचा जा रहा है।दरअसल, जिला अस्पताल स्थित टीबी वार्ड की बिल्डिंग 60 वर्ष पुरानी हो गयी है। जिला अस्पताल में लगभग 60 साल पुराने टीबी वार्ड को गिराने का काम शुरू हो गया है। इसकी जगह अब क्रिटिकल केयर ब्लॉक बनाने की तैयारी है। अस्पताल प्रबंधन की ओर से मिली जानकारी के अनुसार यह वार्ड तब बनाया गया था, जब टीबी के मरीजों को भर्ती करके उपचार किया वितरण जाता था। करीब 20 से 25 साल से टीबी के इलाज का तरीका पूरी तरह बदल गया। दवाएं भी बहुत बेहतर हो गई हैं। मरीजों को अस्पताल से निशुल्क दवा दी जाती है और वे घर पर ही इन्हें ले सकते हैं। इस बिल्डिंग का इस्तेमाल मरीजों की जांच व दवा वितरण के लिए ही किया जा रहा था।पिछले लगभग 20 दिन से टीबी अस्पताल की इस बिल्डिंग को गिराने का काम किया जा रहा है। इसका टेंडर जारी किया गया, हालांकि यह काम भी बहुत गुपचुप तरीके से किया गया और अस्पताल प्रबंधन ने अपने चहेतों को ही इस बिल्डिंग को गिराने का ठेका दे दिया। एभी यह स्पष्ट भी नहीं है कि बिल्डिंग को गिराने के बाद उसमे से निकले स्क्रैप को बेचने का टेंडर भी इसी ठेके में शामिल है या नहीं। अगर शामिल भी है तो किस प्रक्रिया के तहत स्क्रैप को बेचा जाना है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 February 2023

guna, Truck rammed,bus full of passengers,two killed

गुना। मप्र के गुना जिले में चांचौड़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत बीनागंज से 14 किलोमीटर दूर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बुधवार तड़के एक तेज रफ्तार ट्रक ने यात्रियों से भरी एक बस को पीछे से टक्कर मार दी। इस हादसे में बस कंडक्टर समेत दो लोगों की मौत हो गई, जबकि 11 यात्री घायल हो गए। बताया जा रहा है कि बस गुजरात के अहमदाबाद से यूपी जा रही थी। इसी दौरान बस का टायर पंचर हो गया था और बस का स्टाफ टायर बदल रहा था, तभी यह हादसा हो गया।     चांचौड़ा थाना प्रभारी बलवीर सिंह गौर ने बताया कि हादसा बुधवार तड़के 4.00 बजे हुआ। बीनागंज से 14 किलोमीटर दूर बस का टायर पंचर हो गया था। स्टाफ टायर बदलने के लिए जैक लगा रहा था, तभी ब्यावरा की तरफ से तेज गति से आ रहे ट्रक ने बस को पीछे से टक्कर मार दी। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को अस्पताल पहुंचाया। हादसे में गंभीर रूप से घायल हुए श्योपुर जिले के तेलीपुरा के रहने वाले संजय आदिवासी (28) की बीनागंज अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई, जबकि बस के कंडक्टर संतोष ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। वहीं, हादसे में अन्य 11 यात्री घायल हुए हैं, जिन्हें गुना के जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है।     उन्होंने बताया कि बस में सवार अधिकतार लोग गुजरात में मजदूरी और कंपनियों में काम करते हैं। ज्यादातर लोग यूपी के रहने वाले हैं। सभी लोग अपने घर जा रहे थे। बस में सवार यात्री अमित कुमार ने बताया कि वह यूपी के रहने वाले हैं। अहमदाबाद में सोलर प्लेट की फैक्ट्री में काम करते हैं। वह अपने घर बांदा जा रहे थे। सुबह बस का टायर पंचर हो गया। ड्राइवर ने बस को लेफ्ट साइड खड़ी न करके राइट साइड ही खड़ी कर ली। सभी सवारियों से कहा कि बस के अंदर ही रहना, बाहर मत निकलना। इसी कारण सभी सवारियां बस के अंदर ही थीं। आधे घंटे बाद अचानक जोरदार टक्कर हुई और बस फोरलेन के बीच की खाई में गिर गई। पीछे बैठे लोगों को ज्यादा चोट आई है।     घायलों के नाम आमिश खान निवासी चांदपुर फतेहपुर (यूपी), बृजेश श्रीवास निवासी छतरपुर (एमपी), बलराम राजपूत निवासी फतेहपुर (यूपी), राम गणेश आदिवासी निवासी श्योपुर (एमपी), सत्यम प्रजापति निवासी जालौन (यूपी), अनिल श्रीवास निवासी बांदा (यूपी), मंगल केवट निवासी जालौन (यूपी), विनोद कुर्मी निवासी दतिया (एमपी), राजीव यादव निवासी फतेहपुर (यूपी), मनोज यादव निवासी फतेहपुर (यूपी) और चच्चू केवट निवासी जालौन (यूपी) बताए गए हैं। घायलों में अमीश खान की हालत गंभीर बताई जा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 January 2023

guna, Three policemen killed, encounter poachers

गुना (मध्य प्रदेश) । मध्य प्रदेश के गुना जिले के आरोन थाना क्षेत्र में पुलिस और शिकारियों के बीच हुई मुठभेड़ में एक एसआई समेत तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। तीनों पुलिसकर्मियों के शव जिला अस्पताल लाए गए हैं। पुलिस टीम में शामिल ड्राइवर गंभीर रूप से घायल है। यह वारदात शनिवार तड़के 3 से 4 बजे के बीच की है। इस संबंध में मुख्यमंत्री ने उच्चस्तरीय बैठक बुलाई है। बताया गया है कि शुक्रवार रात आरोन पुलिस को सूचना मिली थी कि शहरोक गांव की पुलिया से आगे मौनवाड़ा के जंगल में शिकारियों ने ब्लैक बग हिरण और मोर का शिकार किया है। इस पर थाने से एसआई राजकुमार जाटव, प्रधान आरक्षक नीरज भार्गव और आरक्षक संतराम मीना सहित सात लोग दो चारपहिया और एक बाइक से जंगल रवाना हुए। इस दौरान पुलिस ने चार मोटरसाइकिल से आए दो-तीन शिकारियों को पकड़ लिया। तभी पीछे से आए शिकारियों के अन्य साथियों ने फायरिंग शुरू कर दी। इस मुठभेड़ में पुलिसकर्मी राजकुमार जाटव, नीरज भार्गव और संतराम की मौत हो गई। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से हिरण और मोर के शव भी बरामद किए हैं। आरोपित फरार हैं। एसपी राजीव कुमार मिश्रा का कहना है कि सगा बरखेड़ा की तरफ से बदमाशों के जाने की सूचना मिली थी। इनकी घेराबंदी के लिए 3-4 पुलिस टीम लगाई गई। शहरोक के जंगल में 4-5 बाइक से बदमाश जाते हुए दिखे। पुलिस ने घेराबंदी की तो उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। गुना में हुई इस वारदात पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सुबह 9:30 बजे आपात उच्चस्तरीय बैठक बुलाई। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, सीएस, पीएस गृह, पीएस मुख्यमंत्री सहित पुलिस के बड़े अधिकारी इसमें शामिल हैं। डीजीपी और गुना प्रशासन के बड़े अधिकारी भी बैठक से वर्चुअली जुड़े हैं। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि हमारे परिवार के तीन जांबाज सदस्यों की मौत हो गई। अपराधी कोई भी हो, पुलिस से बचके जा नहीं सकता। कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। कठोरतम कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान वारदात की खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 May 2022

 digvijay singh

दिग्विजय सिंह के चुनावी कैप्टन हैं कमलनाथ   पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने चुनाव की तुलना आईपीएल से करते हुए कहा की |  जिस तरह आईपीएल में  जीतने के के लिए  आखिरी  ओवर में रन बनाने के लिए अच्छे बल्लेबाज को भेजा जाता है  |  ठीक वैसे ही  मुझे भेजा गया है  |  और  मेरे  कैप्टन कमलनाथ हैं  |  दिग्विजय सिंह ने कहा वो IPL मैच को फॉलो करते हैं | जिस तरह आईपीएल में बीस ओवर का मैच होता है  | है आखिरी के पांच ओवर में बल्लेबाज को ठोकने के लिए भेजा जाता है | उसी तरह उनको भी उनके कैप्टन कमलनाथ ने उनको चुनाव में भेजा गया है  |  ठोकने के लिए  |  अब बारी है ठोकने की  | मतलब वे कह रहे हैं की चुनाव प्रचार थमने में एक दिन का समय है  | और इस समय में वे कांग्रेस को जीत की ओर ले जाएंगे  |  अब जीत हार तो जनता के हाथ में है |  फिलहाल आप देखिये दिग्विजय सिंह की बल्लेबाजी का बयान |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 November 2020

 Ajay Singh

अजय सिंह :विधायक बिके हैं, जनता  नहीं     पूर्व मंत्री।  कांग्रेस नेता अजय सिंह ने  ज्योतिरादित्य सिंधिया को गद्दार कहा।  बमोरी में अजय सिंह ने कहा  ग्वालियर चम्बल संभाग का एक एक  कांग्रेस कार्यकर्ता आज अपने आप को वास्तव में स्वतंत्र महसूस कर रहा है।  पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह  कमलनाथ के साथ बमोरी पंहुचे |  उन्होंने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के पाला बदलने के बाद से ग्वालियर चम्बल संभाग का एक एक  कांग्रेस कार्यकर्ता आज अपने आप को वास्तव में स्वतंत्र महसूस कर रहा है।  वह अब एकाधिकारवाद से आजाद है  | आजाद नहीं हैं तो केवल महेंद्र सिंह सिसोदिया, जो अभी भी कहते फिर रहे हैं कि मैं तो सिंधिया के जूते उठाने लायक हूँ |   मैं पूछना चाहता हूँ कि वे जनता की सेवा करने के लिए विधायक बने थे या सिंधिया के जूते उठाने के लिए  | शर्म आना चाहिए ऐसी गुलामी पर  | उनके दादा सागर सिंह सिसोदिया जिन्होंने स्वतन्त्रता के लिए अंग्रेजों से लड़ाई लड़ी  | वे एक सच्चे कांग्रेसी थे |  आज उनकी आत्मा दुखी हो रही होगी कि पोता कहाँ भटक गया है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 October 2020

 Guna Accident

कंटेनर और बस में  टक्कर 50 के करीब घायल   गुना में एक कंटेनर और बस में जोरदार टक्कर हुई  | इस हादसे में कंटेनर में सवार 8 मजदूरों की मौत हो गई और  बस में सवार करीब पचास यात्री घायल हो गए  |  यह सभी मजदूर महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश अपने घर जा रहे थे  | यह भी बताया जा रहा है कि ट्रक ड्राइवर ने इनसे 3-3 हजार रुपए लिए थे  |  ये हादसा देर रात में हुआ | हादसा भयनक था की कंटेनर में बैठे आठ मजदूरों की जान चली गई जबकि बस में सवार 50 लोग घायल हो गए  | ते महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश अपने घर जा रहे थे | मध्य प्रदेश सरकार ने हादसे में मारे गए मजदूरों के परिवार को 2-2 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार रुपए देने की घोषणा की है  | एएसपी टीएस बघेल ने मृतकों की संख्या की पुष्टि करते हुए बताया कि यह सभी मजदूर महाराष्ट्र के मुंबई से आए थे और उत्तर प्रदेश में रायबरेली व उन्नाव स्थित अपने घर जा रहे थे  | गौरतलब है कि लॉकडाउन के दौरान महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश और बिहार जा रहे मजदूर मध्य प्रदेश से होकर गुजर रहे हैं  |  इस दौरान मजदूरों के सड़क हादसों में जान गंवाने की लगातार खबरें आ रही हैं  | 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 May 2020

shav

  छतरपुर में  बघारी रेत खादान पर एक युवक की संदिग्ध हालत मे मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई  आशंका जताई जा रही है  कि  रूपये के लेन देन को लेकर  युवक की हत्या की गई है पुलिस ने मामला दर्ज कर शव को  पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया   छतरपुर के चंदला थाने के बघारी रेत खादान पर एक युवक की संदिग्ध हालत मे शव मिलने से लोगों में हड़कंप मच गयाबताया जा रहा है की  बीती रात सतीश खगार रूपये के लेन देन पर बघारी रेत खादान आया था  और अपने एक साथी के साथ रात मे उसके घर रूक गया सुबह जब सतीश के साथी ने उससे देखा तो वह अचेत अवस्था मे जमीन पर पड़ा उसके कान से खून निकल रहा था    युवक की मौत की सूचना पुलिस को मिलते ही  पुलिस ने तत्काल मौके पर पहुंचकर  युवक का पंचनामा कर  शव पोस्टमार्टम को भेज दिया  आशंका जताई जा रही है की  कि बघारी रेत खादान पर रूपये के लेन देन पर युवक की हत्या की गई है पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर मौत का खुलासा होने की बात कही जा रही है

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  1 July 2019

भावांतर भुगतान योजना

      भावांतर भुगतान योजना के बारे में शुरू में जितनी भी अफवाहें फैलाई गई, वो सब बेअसर साबित हुई हैं। किसानों को कृषि उपज मंडियों में उनकी फसल की वाजिब कीमत के साथ-साथ समर्थन मूल्य और मॉडल रेट के अन्तर की राशि राज्य सरकार की ओर से भावांतर राशि के स्वरूप में सीधे बैंक खातों में प्राप्त हो रही हैं। किसान अब अफवाहों से सावधान हो गये हैं और अपनी उपज को गल्ला किसानों की दुकानों की बजाय सीधे कृषि मंडियों में लाकर सरकारी महकमें की देखरेख में बेच रहे हैं।  भावांतर भुगतान योजना के पहले चरण में 16 अक्टूबर से 30 अक्टूबर के बीच गुना जिले की कृषि उपज मंडियों में 3644 किसानों ने अपनी फसल बेंची। इन्हें व्यापारी द्वारा फसल का नगद भुगतान मंडी में ही मिला और भावांतर राशि कुल 4 करोड़, 62 लाख 54 हजार 510 रुपये बैंक खातों के माध्यम से मिली। इस योजना के अन्तर्गत नरसिंहपुर जिले में उक्तावधि में 2457 किसानों ने कृषि मंडियों में जाकर अपनी फसल बेची। इन्हें भी मंडियों में फसल का वाजिब दाम मिला। साथ ही 3 करोड़ 69 लाख रुपये भावांतर राशि बैंक खातों में भी मिली। गुना जिले के ग्राम मोड़का के किसान इन्द्रजीत चौहान को उनकी उड़द की फसल मंडी में बेचने पर अच्छी कीमत तुरंत मिली। साथ ही 1,12,879 रुपये भावांतर राशि बैंक खाते में मिली। इन्हें नहीं पता था कि बैंक खाते में पहुंची राशि किस कारण मिली है। इन्होंने बैंक जाकर पूछा तब मालूम हुआ कि यह मंडी में बेची गई फसल की भावांतर राशि है जो राज्य सरकार ने दी है। किसान इन्द्रजीत ने भावांतर राशि से अगली फसल की तैयारी शुरू कर दी है। गुना जिले के ही बृजमोहन यादव को 1,17,792 रुपये, अर्चना बाई को 1,12,368 रुपये, चन्द्रभान सिंह को 84,672 रुपये और कैलाशनारायण नागर को 94,968 रुपये भावांतर राशि मिली है। ये किसान इस राशि का इस्तेमाल अपने घरेलू खर्चों की प्रतिपूर्ति और अगली फसल की तैयारी में कर रहे हैं। भावांतर भुगतान योजना से ग्राम बढ़ैयाखेड़ा जिला नरसिंहपुर के किसान नरेन्द्र कुमार लोधी को 17.40 क्विंटल उड़द गोटेगांव मंडी में बेचने पर समर्थन मूल्य नगद मिला और भावांतर राशि 41,760 रुपये अलग से मिली। नरेन्द्र ने 2776 रुपये प्रति क्विंटल के भाव से मंडी में अपनी उड़द बेची थी। नरेन्द्र की तरह ही प्यारेलाल लोधी को उड़द की फसल मंडी में बेचने पर तत्काल समर्थन मूल्य तो मिला ही, साथ ही भावांतर भुगतान योजना के अन्तर्गत 15,120 रुपये और ग्राम कन्हारपानी के कृषक डब्बूलाल लोधी को 71,160 रुपये भावांतर राशि मिली है। ये सभी किसान अब भावांतर भुगतान योजना के फायदे अच्छी तरह समझने लगे हैं।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 December 2017

नर्मदा सेवा यात्रा

  नर्मदा सेवा यात्रा में अकेले नर्मदा नदी के किनारे बसे शहर ही नहीं बल्कि प्रदेश के अन्य जिलों से आई उप यात्राएँ भी मुख्य यात्रा में शामिल हो रही हैं । अन्य जिलों से आये व्यक्तियों से बातचीत करने पर पता लगा कि वे मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा नर्मदा संरक्षण हेतु उठाये गये दूरगामी कदम को अपने जिलों में बहने वाली नदियों के संरक्षण के लिये भी लागू करने की सामूहिक कोशिश करेंगे । बुधनी में भोपाल, मुरैना, दतिया, ग्वालियर और भिण्ड से आई उप यात्राएँ आज शामिल हुईं। 25 मार्च को बांद्राभान में सागर और भोपाल जिले से, 27 मार्च को पन्ना, छतरपुर और सागर जिले से उप यात्राएँ मुख्य यात्रा में शामिल होंगी । इसी प्रकार रायसेन जिले की मुख्य यात्रा में भारकच्छ में 29 मार्च को, घाटपिपरिया में विदिशा जिले की उप यात्रा 31 मार्च को और गुना जिले की उप यात्रा 3 अप्रैल को बौरास मुख्य यात्रा में शामिल होगी ।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  24 March 2017

 एलईडी बल्ब

एक करोड़ से अधिक एलईडी बल्ब का वितरण मध्यप्रदेश में उजाला योजना के बेहतर क्रियान्वयन के फलस्वरूप अब तक एक करोड़ से अधिक एलईडी बल्ब का वितरण हो चुका है। प्रदेश में उजाला योजना गत वर्ष 30 अप्रैल को शुरू हुई थी। राज्य में प्रतिमाह औसतन 12 लाख 50 हजार 320 एलईडी बल्ब वितरित किये रहे हैं। इस प्रकार मध्यप्रदेश की स्थिति पूरे देश में दूसरे स्थान पर है। ट्यूबलाइट और पंखों का भी वितरण एक करोड़ एलईडी बल्ब के वितरण से सालाना 1825 मिलियन यूनिट बिजली की बचत होगी। साथ ही उपभोक्ताओं के बिजली बिल में सालाना 1095 करोड़ रुपये की कमी आयेगी। प्रदेश में तीन माह पूर्व 20 वॉट की एलईडी ट्यूबलाइट और 5 स्टार रेकिंग पंखों का वितरण प्रारंभ किया गया था। पंखे की कीमत 1150 रुपये है, जो बाजार दर से आधी कीमत पर है। अब तक 55 हजार ट्यूब-लाइट तथा 6500 पंखे वितरित किये गये हैं। एलईडी बल्ब, ट्यूब-लाइट और ऊर्जा दक्ष 5 स्टार रेटिंग पंखे पोस्ट ऑफिस ऊर्जा भवन भोपाल, ऊर्जा विकास निगम के जिला कार्यालय, ऊर्जा शॉप, हाट-बाजार, विद्युत वितरण केन्द्र आदि के माध्यम से प्रदाय किये जा रहे हैं। गत वर्ष नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा की 1497.33 मेगावॉट की परियोजनाएँ स्थापित की गयी, जिनसे प्रदेश को लगभग 10 हजार करोड़ का निवेश प्राप्त हुआ था। यह उपलब्धि साल 2014-15 में स्थापित 661.5 मेगावॉट की तुलना में 2.26 गुना अधिक है। साल 2015-16 के दौरान स्थापित क्षमता की दृष्टि से प्रदेश देश का प्रथम राज्य रहा है। इस साल देश की लगभग 24 प्रतिशत क्षमता प्रदेश में स्थापित हुई। इस प्रकार प्रदेश की कुल नवकरणीय ऊर्जा की स्थापित क्षमता 3018.89 मेगावॉट हो गयी है, जो साल 2012 की स्थापित क्षमता 438 मेगावॉट से 7 गुना अधिक है। पवन ऊर्जा परियोजनाओं में देश में अव्वल पवन ऊर्जा परियोजनाओं की स्थापना में भी बेहतर कार्य कर मध्यप्रदेश देश में पहले स्थान पर रहा। पूरे साल 1261.4 मेगावॉट क्षमता स्थापित हुई, जो देश में किसी भी राज्य द्वारा अब तक एक साल में स्थापित क्षमता में सबसे अधिक है। देश में 3200 मेगावॉट क्षमता की पवन ऊर्जा परियोजनाएँ स्थापित हुई। इनमें प्रदेश की 40 प्रतिशत भागीदारी रही। गुढ़ (रीवा) में विश्व की सबसे बड़ी सोलर परियोजना विश्व की सबसे बड़ी 750 मेगावॉट की सौर ऊर्जा परियोजना रीवा‍जिले में क्रियान्वित की जा रही है। परियोजना पर 4500 करोड़ का निवेश होगा। इससे उत्पादित होने वाली ऊर्जा राज्य की आवश्यकताओं की पूर्ति के अलावा दिल्ली मेट्रो को भी बिजली प्रदाय करेगी। ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2016 गत अक्टूबर में इंदौर में हुई ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा की 5 परियोजनाओं के निवेश प्राप्त हुए। इन परियोजनाओं की कुल क्षमता 2700 मेगावॉट है, जिस पर लगभग 16 हजार 200 करोड़ रुपये का निवेश संभावित है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 February 2017

ज्योतिरादित्य सिंधिया का  रैंपवॉक

  अपने संसदीय क्षेत्र की मशहूर चंदेरी साड़ी को प्रमोट करने के लिए सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने फैशन वीक में रैंप वॉक किया। दिल्ली में आयोजित एफडीसीआई के फैशन वीक के शुरुआत शो 'रोड टू चंदेरी' में अन्य मॉडल्स के साथ रैंप पर उतरे। फैशन शो में देश के 16 जाने-माने डिजाइन परंपरागत कपड़ों में अपनी क्रिएटिविटी दिखा रहे हैं। शो के दौरान सामंत चौहान द्वारा बनाई डॉक्यूमेंट्री भी दिखाई गई, जिसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया ने वाइस ओवर दिया है। सिंधिया जब रैंप पर चल रहे थे तो उनका अंदाज किसी प्रोफेशन मॉडल से कम नहीं था।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 October 2016

madhyprdesh barish

रीवा, गुना सहित कई जिलों में फिर भारी बारिश का अलर्ट   दो दिन के ब्रेक के बाद मंगलवार को राजधानी भोपाल फिर हल्की बारिश से तरबतर हो गई। दोपहर 12 बजे के बाद शहर में कई जगह हल्की बारिश हुई। मौसम केंद्र ने प्रदेश के पूर्वी हिस्से में भारी बारिश होने की संभावना जताई है।   यहां अलर्ट भोपाल में मंगलवार सुबह 8.30 बजे तक 1.6 मिमी बारिश दर्ज की गई। इस सीजन में यहां अब तक 1241 मिमी से ज्यादा पानी बरस चुका है। जबलपुर, सिंगरौली, सीधी, सतना, उज्जैन, देवास में भी बारिश हुई। गुना, राजगढ़, आगर, सतना, रीवा, शहडोल समेत कई जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है। मौसम केंद्र ने इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है।    भोपाल, इंदौर, मंडला, हरदा, होशंगाबाद, नरसिंहपुर, जबलपुर जिलों में आज गरज- चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। मौसम केंद्र ने बताया कि बांग्लादेश के पास बना लो प्रेशर सिस्टम झारखंड, बिहार, छतीसगढ़ होता हुआ पूर्वी मप्र से दस्तक दे सकता है। इस वजह से फिर तेज बारिश होने का अनुमान है। प्रदेश में अब तक सामान्य से 33 फीसदी ज्यादा बारिश हो चुकी है। पूर्वी मप्र में 30 और पश्चिमी मप्र में 36 फीसदी ज्यादा पानी बरस चुका है।   30 जिले में सामान्य से 20 प्रतिशत ज्यादा, 19 में सामान्य और 2 जिले में कम वर्षा दर्ज मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 01 जून से 22 अगस्त तक हुई वर्षा के आधार पर 30 जिलों में सामान्य से अधिक वर्षा, 19 जिले में सामान्य तथा 2 जिले में कम वर्षा दर्ज की गई है।   सामान्य से अधिक वर्षा वाले जिले- जिन जिलों में 20 प्रतिशत से अधिक वर्षा हुई है। इनमें जबलपुर, कटनी, मण्डला, नरसिंहपुर, सागर, दमोह, पन्ना, छतरपुर, रीवा, सीधी, सिंगरौली, सतना, इंदौर, झाबुआ, अलीराजपुर, उज्जैन, मंदसौर, नीमच, रतलाम, शाजापुर, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर, भोपाल, सीहोर, रायसेन, विदिशा, राजगढ़, होशंगाबाद और बैतूल है।   सामान्य वर्षा वाले जिलों में छिन्दवाड़ा, सिवनी, डिण्डोरी, टीकमगढ़, शहडोल, अनूपपुर, उमरिया, धार, खरगोन, बुरहानपुर, देवास, मुरैना, श्योपुरकला, भिण्ड, ग्वालियर, दतिया, हरदा, खण्डवा और आगर शामिल हैं। कम वर्षा वाले जिले बड़वानी और बालाघाट हैं।   बाढ़ से 3.80 लाख आबादी प्रभावित प्रदेश में बाढ़ और अति वर्षा से 3 लाख 83 हजार 459 आबादी प्रभावित हुई। कुल 103 जनहानि दर्ज की गई है। इक्कीस लोग घायल हुए हैं और 7 लोग लापता है। वर्षा से 2760 मकान पूरी तरह और 44 हजार 200 आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए। बाढ़ के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में समय-समय पर संचालित राहत शिविरों की संख्या 162 रही है। इन शिविरों का उपयोग 22 हजार 387 लोग ने किया। मानसून मौसम में सबसे ज्यादा सतना में 40 और रीवा में 29 शिविर वर्तमान में संचालित किये जा रहे हैं।   इसके अलावा मानसून मौसम में प्रदेश के 26 जिलों में 398 पशुहानि हुई। पन्ना जिले में 2 बांध फूटे और छतरपुर जिले में 2 पुलिया क्षतिग्रस्त हुई।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 August 2016

Video
Advertisement
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.