Since: 23-09-2009

  Latest News :
कांग्रेस के पांच-छह विधायकों को किडनैप कर हरियाणा ले गई भाजपा : सुक्खू.   ईडी ने केजरीवाल को भेजा आठवां समन.   लोकसभा चुनाव के पहले ही हार मान चुका है विपक्ष : प्रधानमंत्री.   नेशनल कॉन्फ्रेंस इंडिया गठबंधन के साथ कांग्रेस से होगी सीट शेयरिंग : फारूक अब्दुल्ला.   राज्यसभा चुनाव : 15 में से 10 भाजपा उम्मीदवार जीते.   गायक पंकज उधास का निधन.   भाजपा का परिवार लगातार बढ़ रहा पार्टी देश में 370 से अधिक सीटें जीतेगी: मुख्यमंत्री डॉ. यादव.   भोपाल सहित 6 नगरीय निकायों में चलेंगी 552 ई-बसें.   मप्र: जीतू पटवारी का तंज बोले- पर्ची से निकले मुख्यमंत्री से नही संभल रहा प्रदेश.   ग्वालियर-चंबल अंचल में बुधवार को बूंदाबांदी की संभावना.   इंदौर रोड पर बस-डंपर से टकराई.   कूनो में सफल हुआ है चीतों का पुनर्स्थापन: केंद्रीय मंत्री.   दंतेवाड़ा के किंरदुल एनएमडीसी खदान में धंसी चट्टान चार मजदूरों की मौत.   मीसाबंदियों की सम्मान निधि फिर शुरू होगी- मुख्यमंत्री साय.   एक शैक्षणिक सत्र में दो बार होगी बोर्ड की परीक्षाएं, आदेश जारी.   सदन में उठा कवर्धा दोहरे हत्याकांड का मामला विपक्ष ने कहा कानून व्यवस्था गंभीर.   बड़े भाई ने छोटे भाई की गोली मार कर की हत्या.   नवविवाहिता की आग से जलकर मौत.  

रायसेन News


raisen,  Mahabodhi Mahotsav , procession

रायसेन। मध्य प्रदेश के विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल एवं बौद्ध अनुयायियों के तीर्थ स्थल सांची में दो दिवसीय महाबोधि महोत्सव रविवार शोभायात्रा के साथ संपन्न हुआ। इस बार महाबोधि महोत्सव में श्रीलंका, थाईलैंड, जापान समेत अन्य देशों से भक्तगण शामिल हुए। इस दौरान यहां दो दिवसीय मेले का भी आयोजन किया गया, जिसका देश-विदेश से आए श्रद्धालुओं ने जमकर लुत्फ उठाया।   बता दें कि महाबोधि महोत्सव का शुभारंभ शनिवार, 25 नवम्बर को प्रातः 08 बजे भगवान बुद्ध के शिष्य सारिपुत्र और महामोदग्लायन के अस्थि कलश पूजन के साथ हुआ। अस्थि कलश पूजन के लिए श्रीलंका, जापान, वियतनाम सहित कई देशों से आए बौद्ध अनुयायी महाबोधि सोयायटी से स्तूप परिसर में स्थित बुद्ध मंदिर पहुंचे। स्तूप परिसर स्थित मंदिर में सुबह के समय श्रीलंका महाबोधी सोसायटी के अध्यक्ष वानगल उपतिस्स नायक थेरो तथा उनके शिष्यों द्वारा महात्मा बुद्ध के शिष्य महामोदग्लायन एवं सारिपुत्र की पवित्र अस्थियों की पूजा कर दर्शन के लिए रखा गया। इन पवित्र अस्थि कलशों को श्रीलंका महाबोधी सोसायटी के पदाधिकारियों तथा जिला प्रशासन के अधिकारियों की उपस्थिति में तलघर से मंदिर तक लाया गया।   महाबोधि महोत्सव के दूसरे दिन रविवार को यहां शोभायात्रा निकाली गई। दोपहर दो बजे शोभायात्रा चेतयागिरी बिहार मंदिर से शुरू हुई। महाबोधी सोसायटी के तपस्वी स्वामी महाराज ने भगवान बुद्ध के परम शिष्य सारीपुत्र और महामुगलायन का अस्थि कलश अपने सिर पर रखकर मुख्य स्तूप की परिक्रमा की। इस बार वियतनाम का दल नहीं आया, इसलिए एक घंटे की शोभायात्रा बगैर बैंड के निकाली गईं। इस दौरान देश-विदेश से आए बुद्ध धर्म को मानने वाले अनुयायियों ने साधु-साधु का जयघोष किया।   गौरतलब है कि यह महोत्सव बौद्ध धर्म के महान उत्सवों में से एक है, जो महात्मा बुद्ध के बोधि प्राप्ति की

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 November 2023

raisen, Babu arrested ,taking bribe

रायसेन। लोकायुक्त पुलिस ने तहसील कार्यालय के एक बाबू को 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। बाबू ने रिश्वत की यह राशि एक व्यक्ति से उसकी जमीन की नपती और नामांतरण के नाम पर मांगी थी।   जानकारी के अनुसार भोपाल लोकायुक्त की टीम ने सोमवार दोपहर में तहसील कार्यालय के बाबू आर.एन.साहू को 50 हजार रु. की रिश्वत लेते हुए पकड़ा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मंडीदीप निवासी फरियादी विवेक मालवीय ने लोकायुक्त एसपी से 8 मई को 20 एकड़ जमीन की नपती और नामांतरण के लिए 1 लाख रुपये की रिश्वत मांगे जाने की शिकायत की थी। प्रारंभिक पड़ताल में शिकायत सही पाए जाने पर लोकायुक्त टीम ने बाबू को रंगे हाथों पकड़ने की योजना बनाई। तय योजना के अनुसार फरियादी विवेक मालवीय ने रिश्वत की राशि की पहली किश्त के रूप में जैसे ही 50 हजार रुपये बाबू को दिए, उसी समय लोकायुक्त टीम ने बाबू को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  15 May 2023

raisen,Bus,passengers

भोपाल/ रायसेन। रायसेन जिले में बुधवार तड़के बड़ा हादसा टल गया। यहां एक तेज रफ्तार यात्री बस निर्माणाधीन पुलिया से नीचे गिरते-गिरते बची। हादसे के वक्त बस में करीब 50 यात्री सवार थे। सभी यात्रियों को समय रहते बस से नीचे उतार लिया गया जिससे बड़ा हादसा टल गया। बाद में यात्रियों को दूसरी बस से गंतव्य के लिए रवाना किया गया। जानकारी अनुसार श्रीवास्तव ट्रेवलर्स कंपनी की बस भोपाल से सागर जा रही थी। इसी दौरान बुधवार तड़के करीब तीन बजे रायसेन शहर के सागर मार्ग पर स्थित आमखेड़ा के पास पुलिया बनाई जा रही थी। इस पुलिया निर्माण के दौरान एक अतिरिक्त रास्ता भी बनाया गया था, लेकिन ड्राइवर को रात होने की वजह से निर्माणाधीन पुलिया दिखाई नहीं दी और तेज रफ्तार बस उस पुलिया के ऊपर चढ़ाती गयी। पत्थर आने पर बस अचानक रुक गई। बस में बैठे यात्रियों में चीख-पुकार मच गई, आवाज सुनकर आसपास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे। यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला। घटना के समय बस में लगभग 50 यात्री सवार थे। आमखेड़ा पंचायत के सरपंच बद्री प्रसाद ने बताया कि रात में भोपाल की ओर से आ रही एक बस पुलिया से गिरने से बच गई। वहीं, आवाज सुन सभी ग्रामीण मौके पर पहुंचे और यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाल कर दूसरी बसों से रवाना किया। इस घटना में किसी को कोई जनहानि नहीं हुई है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 May 2023

raisen,Father jumped , two daughters, all three died

रायसेन। मप्र के रायसेन जिला मुख्यालय से करीब 100 किलोमीटर दूर सुल्तानगंज थाना क्षेत्र के ग्राम टेकापार में रविवार को एक पिता ने तैरना नहीं जानने के बावजूद कुएं में गिरी अपनी दो बेटियों को बचाने के लिए कुएं में छलांग दी, जिससे तीनों की डूबने से मौत हो गई। सूचना मिलने पर ग्रामीणों की भीड़ मौके पर एकत्रित हो गई। उन्होंने तीनों के शव कुए से निकालकर अस्पताल पहुंचाए। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।     सुल्तानगंज थाना पुलिस के अनुसार, क्षेत्र के ग्राम टेकापार निवासी रामलाल चिढ़ार की तीन बेटियां शैफाली उम्र 14 वर्ष, वैशाली उम्र 10 वर्ष और शुभी उम्र छह वर्ष रविवार को खेलने के लिए खेतों के आसपास गई थी। खेलते हुए तीनों मासूम बेटियां खेत में कुएं के पास लगे पेड़ से बेर तोड़ने लगी। बेर तोड़ते-तोड़ते शैफाली और वैशाली का पैर फिसल गया और वे कुए में गिर गईं। अपनी दोनों बड़ी बहनों को कुएं में गिरते हुए देखकर शुभी चिल्लाकर रोने लगी। बच्ची की रोने की आवाज सुनकर पिता रामलाल उम्र 35 वर्ष पहुंच गए। रामलाल को तैरना नहीं आता था, लेकिन बेटियों की जिंदगी बचाने की उम्मीद लेकर उसने कुएं में छलांग लगा दी। कुएं में पानी अधिक होने से पिता अपनी बेटियों को नहीं बचा सका और तीनों की डूबने से मौत हो गई।     अपनी दोनों बहनों और पिता के डूबने का मार्मिक दृश्य देखकर नन्ही शुभी की चीख-पुकार तेज हो गई। जोर-जोर से चिल्लाने की आवास सुनकर वहां से निकलने वाले पहुंच गए। ग्राम के सुरेंद्र सिंह ने जब कुएं के पास पहुंचकर यह दृश्य देखा तो उन्होंने फोन करके ग्राम के अन्य लोगों को बुलाया। इसके साथ ही उन्होंने डायल-100 के माध्यम से पुलिस को सूचना दी। ग्रामीणों ने कुए पर पहुंचकर पिता और उसकी दोनों बेटियों को निकालने का प्रयास किया। काफी मशक्कत के बाद ग्रामीणों ने तीनों के शव कुएं से बाहर निकाले।     ग्रामीण तीनों के शव सुल्तानगंज शासकीय अस्पताल ले गए। इस दौरान पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने तीनों पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिए हैं। रामपाल की पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल है। एक साथ तीन लोगों की मौत से गांव में मातम छाया हुआ है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 March 2023

raisen,Congress protests , Mhow incident

रायसेन। युवा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष विकास शर्मा एवं रूपेश तंतवार के नेतृत्व में महू में आदिवासी युवती से बलात्कार के बाद हत्या और आदिवासी भाइयों पर पुलिस द्वारा गोली चलाई गयी जिसमे भेरूलाल नामक व्यक्ति की मृत्यु हुई इसके विरोध में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का पुतला दहन किया गया।। पुतला दहन से पूर्व सभी कांग्रेसीयो द्वारा सभा की गई जिसे युवा कांग्रेस अध्यक्ष विकास शर्मा, रूपेश तंतवार, ब्लॉक अध्यक्ष मनोज अग्रवाल, संदीप मालवीय, प्रभात चावला, गुड्डा बघेल, मज़हर कबीर,जावेद अहमद, हसीन अली,राजू महेष्वरी,डग्गा पहलवान,डॉ शेलेन्द्र झरिया,वसीम खान,रवि यादव,जुव्वी खान जी,मलखान सिंह रावत,हसीब हिंदुस्तानी,रमन मेहरा,अभिषेक सेन, अंकित समाधिया, छोटू राय, जुल्लू भाई,गोवर्धन सहरिया,हसीब अली,अनस जोंटी,सुभाष पराशर,लकी गौर,संजू विश्वकर्मा,राहुल समाधिया सौरभ मालवीय उपस्थित थे।।यसेन (हि. स.) 17 मार्च । युवा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष विकास शर्मा एवं रूपेश तंतवार के नेतृत्व में महू में आदिवासी युवती से बलात्कार के बाद हत्या और आदिवासी भाइयों पर पुलिस द्वारा गोली चलाई गयी जिसमे भेरूलाल नामक व्यक्ति की मृत्यु हुई इसके विरोध में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का पुतला दहन किया गया।। पुतला दहन से पूर्व सभी कांग्रेसीयो द्वारा सभा की गई जिसे युवा कांग्रेस अध्यक्ष विकास शर्मा, रूपेश तंतवार, ब्लॉक अध्यक्ष मनोज अग्रवाल, संदीप मालवीय, प्रभात चावला, गुड्डा बघेल, मज़हर कबीर,जावेद अहमद, हसीन अली,राजू महेष्वरी,डग्गा पहलवान,डॉ शेलेन्द्र झरिया,वसीम खान,रवि यादव,जुव्वी खान जी,मलखान सिंह रावत,हसीब हिंदुस्तानी,रमन मेहरा,अभिषेक सेन, अंकित समाधिया, छोटू राय, जुल्लू भाई,गोवर्धन सहरिया,हसीब अली,अनस जोंटी,सुभाष पराशर,लकी गौर,संजू विश्वकर्मा,राहुल समाधिया सौरभ मालवीय उपस्थित थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  17 March 2023

raisen, Passenger bus , Bhopal to Sagar ,turned uncontrolled

रायसेन। रायसेन जिला मुख्यालय से 45 किमी दूर गैरतगंज व गढ़ी के बीच ग्राम मनकापुर के पास शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात एक यात्री बस अनियंत्रित होकर पलट गई। इस हादसे में बस सवार करीब 50 लोग घायल हुए है। घायलों में पांच की हालत गंभीर बताई जा रही है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को बस से निकाला और एम्बुलेंस में बिठाकर उपचार के लिए शासकीय अस्पताल गैरतगंज पहुंचाया। घटना के बाद बस ड्रायवर मौके से भाग निकला। फिलहाल पुलिस मामला दर्ज कर जांच में जुट गई है।   जानकारी अनुसार राधा प्रिया ट्रेवल्स की यात्री बस क्रमांक एमपी-15 पीए-0369 शुक्रवार रात को भोपाल से सागर के लिए रवाना हुई थी। इस दौरान रात करीब 10:47 बजे रायसेन जिला मुख्यालय से 45 किमी दूर गैरतगंज व गढ़ी के बीच ग्राम मनकापुर के पास घाटी की चढ़ाई से पूर्व मोड़ पर सामने से आ रहे वाहन की हेडलाइट से बस चालक भ्रमित हो गया। इस कारण बस अनियंत्रित होकर सड़क से नीचे उतर कर पलट गई। हादसे के बाद मौके पर चीख पुकार मच गई। स्थानीय लोगों ने तुरंत पुलिस को सूचना दी।   सूचना मिलते ही गैरतगंज थाना व गढ़ी चौकी से पुलिस स्टाफ मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को बस से निकाला और एम्बुलेंस में बिठाकर उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया। जिला मुख्यालय सहित अन्य स्थानों से चार एंबुलेंस भी मौके पर पहुंची। घायलों को उपचार के शासकीय अस्पताल गैरतगंज पहुंचाया गया है। हादसे के बाद बस चालक फरार हो गया है।   गैरतगंज थाना प्रभारी महेश शांडिल्य ने बताया कि इस हादसे से बस में सवार करीब पचास लोगों को चोटें आई हैं। जिनमें पांच यात्रियों को गंभीर तथा शेष यात्रियों को मामूली चोटें होना बताया जा रहा है। घटना के कारणों की जांच की जा रही है। बस चालक फरार है। उसकी तलाश की जा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 February 2023

raise, Bus full of pilgrims,Gangasagar, overturned

रायसेन। जिले के सिलवानी थाना क्षेत्र अंतर्गत जमुनिया घाटी पर गुरुवार सुबह तीर्थयात्रियों से भरी एक बस अनियंत्रित होकर पलट गई। हादसे में कुछ तीर्थयात्री घायल हो गए। घायलों की संख्या 15-16 बताई जा रही है। यह बस गंगासागर से गाडरवारा लौट रही थी। मौके पर विधायक रामपाल सिंह राजपूत के सचिव भोले शंकर पाराशर ने पहुंचकर तत्काल पुलिस प्रशासन एवं अन्य लोगों को सूचना दी। आसपास के लोगों की मदद से घायलों को बस से बाहर निकाला गया और उपचार के लिए अस्पताल भिजवाया।     जानकारी के अनुसार, हादसा गुरुवार सुबह करीब साढ़े दस बजे हुआ। तीर्थाटन से लौट रही आरएस तोमर ट्रैवल्स की बस जमुनिया घाटी के पास अचानक पलट गई। एक सप्ताह पहले यह तीर्थयात्री गंगासागर गए थे। वहां से वापस आते हुए हादसा हुआ है। करीब 15-16 लोग घायल हुए हैं। इस दौरान पुलिस व प्रशासन के अधिकारी गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम में व्यस्त थे। हादसे की सूचना मिलने के बाद थाना प्रभारी भारत सिंह अस्पताल पहुंचे। उन्होंने घायलों के बयान दर्ज किए हैं। बताया जा रहा है कि सुबह कोहरा था, सामने से मोड़ पर वाहन दिखाई नहीं देने के कारण बस अनियंत्रित होकर पलट गई।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  26 January 2023

देवी लोक सलकनपुर में 64 योगिनी और माता के 9 स्वरूपों की प्रतिमाएँ होंगी

  मुख्यमंत्री चौहान और क्रिकेटर गौतम गंभीर ने किये मंदिर में दर्शन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि श्रीमहाकाल महालोक उज्जैन की तर्ज पर सलकनपुर देवी मंदिर में बनने वाले देवी लोक में 64 योगिनी और माता के 9 स्वरूपों की प्रतिमाएँ स्थापित की जायेंगी। आगामी नवरात्र में मंदिर परिसर में भव्य कार्यक्रम किया जायेगा, जिसमें देवी लोक की परिकल्पना को श्रद्धालुओं के समक्ष रखा जायेगा। मुख्यमंत्री चौहान ने आज प्रसिद्ध क्रिकेटर एवं सांसद गौतम गंभीर के साथ सलकनपुर माता मंदिर में विधि-विधान से पूजन कर आरती की। मुख्यमंत्री चौहान ने सलकनपुर मंदिर ट्रस्ट की ओर से सांसद गौतम गंभीर का माता की चुनरी, शॉल-श्रीफल और प्रसाद भेंट कर सम्मान किया। मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी  साधना सिंह चौहान, सलकनपुर मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष महेश उपाध्याय एवं श्रद्धालुजन उपस्थित थे। मुख्यमंत्री चौहान ने निर्देश दिये कि आगामी एक सप्ताह में देवी लोक की परिकल्पना का प्लान तैयार कर प्रस्तुत किया जाये। सभी आवश्यक औपचारिकताएँ पूर्ण कर देवी लोक निर्माण का कार्य शीघ्र प्रारंभ किया जाना है। पर्यटन विकास निगम के प्रबंध निदेशक ने बताया कि वर्तमान में मंदिर में चल रहे विकास कार्यों में पार्किंग, दुकान निर्माण और तालाब सौंदर्यीकरण का कार्य लगभग 60 प्रतिशत पूर्ण हो गये हैं। मार्च माह तक सभी कार्य पूर्ण कर लिये जायेंगे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  19 December 2022

मध्यप्रदेश में भारी बारिश से बिगड़े हालात

  भोपाल में पिछले 24 घंटे में 7.5 इंच हुई   मध्य प्रदेश में 52  घंटे से लगातार भारी बारिश के चलते जान जीवन अस्त व्यस्त हो गया है।सबसे ज्यादा बारिश राजधानी भोपाल में पिछले 24 घंटे में 7.5 इंच हुई है।भोपाल के बावड़ियाकलां इलाके की पॉश कॉलोनी इंडस एम्पायर में पानी भर गया। कई घरों की पहली मंजिल डूबने से यहां के 40 मकानों में 18 परिवार फंस गए। जिसके बाद राफ्ट की मदद से लोगों को रेस्क्यू किया गया। शहर में रविवार-सोमवार के दरमियान 7.5 इंच से ज्यादा बारिश हुई है।  कई जिलों में बाढ़ के हालात बने हुए  हैं।  अगले 24 घंटे में तेज बारिश का नया अलर्ट जारी किया गया है। नर्मदापुरम जिले में नेशनल हाईवे बंद हो गया है। नरसिंहपुर से जबलपुर पहुंचने का रास्ता बंद हो गया है। खंडवा में नर्मदा नदी उफान पर है। जबलपुर में ग्वारीघाट के पास नर्मदा नदी से करीब 70 फीट की ऊंचाई पर स्थित दुकानें डूब चुकी हैं। यहां बरगी डैम के 30 में से 17 गेट खुलने से नर्मदा रौद्र रूप में आ गई है। जबलपुर में ग्वारीघाट के पास नर्मदा नदी से करीब 70 फीट की ऊंचाई पर स्थित दुकानें डूब चुकी हैं। यहां बरगी डैम के 30 में से 17 गेट खुलने से नर्मदा रौद्र रूप में आ गई है। पचमढ़ी के जटाशंकर मंदिर में पानी भर गया है। 24 घंटे में पचमढ़ी में 148 मिलीमीटर बारिश हुई है। इससे निचली बस्तियों में पानी भर गया है। सांडिया में नर्मदा नदी 12 मीटर के खतरे के निशान पर बह रही है।  सांडिया में नर्मदा नदी 12 मीटर के खतरे के निशान पर बह रही है।नरसिंहपुर जिले में लगातार 36 घंटों से हो रही बारिश से नर्मदा नदी उफान पर है। झांसी घाट का पुल डूबने से जबलपुर-नरसिंहपुर मार्ग बंद हो गया है। ककरा घाट का पुल भी डूब गया है। तेंदूखेड़ा-गाडरवाड़ा मार्ग भी बंद है। पुलिस बल और रेस्क्यू टीम जरूरी स्थानों पर तैनात है।रायसेन जिले में चारों तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है। निचली बस्तियों में बाढ़ के हालात हैं। जलजमाव से सभी रास्ते बंद हैं। कलेक्टर ऑफिस और उनके बंगले में भी पानी भर गया है। प्रशासन ने नागरिकों से घरों में रहने की अपील की है। प्रभावित लोगों को शहर के वन परिसर और सिंधी धर्मशाला में पहुंचाया जा रहा है।सीधी में शनिवार-रविवार की रात बारिश होती रही। रविवार शाम को डिहुली पंचायत के परसोना निवासी दो युवक सुरेश केवट (24) और राजेश केवट (30) सोन नदी में फंस गए। करीब 14 घंटे बाद SDRF की टीम ने दोनों को सुरक्षित निकाला।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  22 August 2022

फिर एक पुल भ्र्ष्टाचार की भेंट चढ़ा

  बेगमगंज-हैदरगढ़ मार्ग का पुल धस गया   बेगमगंज तहसील के बीना नदी पर बेगमगंज-हैदरगढ़ मार्ग ईदगाह के करीब बनाया गया पुल पहली ही बारिश में धस गया। निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की एक और गाथा सामने आई है। ब्रिज कारपोरेशन द्वारा ठेकेदार के माध्यम से तैयार कराए जा रहे करीब ढाई करोड़ रुपये की लागत के इस पुल का निर्माण हुआ था। लेकिन  पहले ही पुल का एक हिस्सा तीन फीट तक धसक गया । रायसेन और विदिशा जिले के करीब दो दर्जन ग्रामों के लोगों को आशा थी की बीना नदी के माला घाट पर बनने वाला यह पुल आवागमन में सुविधा होगी।  लेकिन  पुल के एक हिस्से के धसकने से आवागमन पूरी तरह से बंद हो गया है। यहां दोपहिया वाहन तक किसी भी तरह से नहीं निकल पाएंगे। लोग जोखिम लेकर पैदल वहां से निकलने का प्रयास कर रहे हैं। पहली बारिश में ही पुल के धसकने से स्‍पष्‍ट है कि निर्माण में जमकर भ्रष्टाचार हुआ है। आपको बता दें पहले पुल की लागत करीब ढेड़ करोड़ रुपये थी।  लेकिन बीना बांध के डूब क्षेत्र के सर्वे के उपरांत इस पुल की ऊंचाई को बढ़ाया गया। ताकि आवागमन में किसी तरह का व्यवधान पैदा ना हो। ऊंचाई बढ़ाने के बाद लागत ढाई करोड़ पहुंच गई। ब्रिज कारपोरेशन द्वारा बनवाए जा रहे इस पुल का ठेका आदित्य कंस्ट्रक्शन कंपनी गुजरात के लिए दिया गया था। जिसने पेटी कांटेक्ट पर बेगमगंज के एक नेता को ठेका दे दिया। निर्माण पूरा होने के बाद ठेकेदार द्वारा अभी वर्षा से पूर्व ही अपना सामान यहां से उठाकर ले जाया गया है। पुल अभी विभाग को हस्तांतरित नहीं हो पाया और यह स्थिति निर्मित हो गई है। अब यह स्पष्ट हो गया है कि जिस तरह भोपाल में मंडीदीप में बना पुल भ्र्ष्टाचार की भेंट चढ़ा था उसी तरह ठेकेदारों और प्रशासन की मिलीभगत से यह निर्माण भी भ्र्ष्टाचार की भेंट चढ़ता दिखाई दे रहा है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  16 August 2022

NIA का भोपाल रायसेन सिलवानी में छापा

  चार संदिग्ध हिरासत में ,ठिकानों से आपत्‍तिजनक सामग्री मिली  NIA राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी  की टीम ने  मध्यप्रदेश के भोपाल और रायसेन  के साथ  सिलवानी में छापामार कार्रवाई की। कार्रवाई में  चार संदिग्‍ध लोगों को गिरफ्तार किया गया  है। भोपाल में एनआइए की टीम ने गांधीनगर से एक युवक को हिरासत में लिया  है।एनआइए की करीब 12 सदस्यी टीम दिल्ली से आई थी। घर की संज्ञान तलाशी ली गई मोबाइल से लेकर सारी चीजों की छानबीन की गई। जुबेर के भाई नबेद पिता सफीक मंसूरी अभी सिलवानी थाने में बैठा कर एनआइए टीम ने पूछताछ की है। इसके अलावा अलावा पुराने भोपाल के मदरसे में पढ़ने वाले एक  युवक को भी हिरासत में लिया है। यह युवक इंटरनेट मीडिया पर काफी सक्रिय था। एनआइए टीम ने इस बार छापामार कार्रवाई में स्‍थानीय पुलिस का भी सहयोग लिया। बताया जा रहा है कि एनआइए को इन लोगों के प्रतिबंधित आतंकी संगठन आइएसआइएस से जुड़े होने की सूचना पर मिली थी। एनआइए टीम ने इन संदिग्‍धों के ठिकानों से कुछ आपत्‍तिजनक सामग्री भी जब्‍त की है।  शनिवार रविवार को सुबह एनआइए की टीम ने रायसेन के वार्ड क्रमांक चार ईदगाह क्षेत्र , सिलवानी के वार्ड नंबर 12 में स्थित नूरपुरा में काईवाई की है। NIA ने  कार्रवाई कर युवक को पकड़ा है। उसके घर की पड़ताल करने के बाद सील कर गया। युवक के बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं है। बताया जाता है कि उससे मिली जानकारी के बाद एनआइए ने रविवार को सुबह 7 बजे से लेकर 10 बजे तक सिलवानी के वार्ड 12 नूरपुरा में छापामार कार्रवाई की है। सिलवानी के नूरपुरा में स्थित जुबेर पिता सफीक मंसूरी के निवास पर, जो भोपाल के एक मदरसा में शिक्षा प्राप्त कर रहा है, उसके घर पर एनआइए ने हर पहलू पर बारीकी से जांच की है।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  31 July 2022

रायसेन में भीषण सड़क हादसा

चार लोगों की मौत चार घायल रायसेन में  सागर मार्ग पर बुधवार सुबह  एक भीषण सड़क हादसा हो गया। जहां एक तेज रफ्तार कार सामने से आ रहे डंपर से जा टकराई। टक्‍कर इतनी जोरदार  थी कि कार पलटकर करीब 70 फीट तक घिसटती गई। कार में  सवार चार लोगों की मौके पर मौत हो गई। जबकि चार अन्‍य घायल हुए हैं।  जिन्‍हें जिला अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। बताया जा रहा है कि  कार भोपाल की ओर से सलकनपुर जा रही थी।जानकारी के अनुसार  ग्राम किशन निवासी सुरजीत ओढ़ अपने ससुर की शवयात्रा में शामिल होने परिजन के साथ सीहोर के ग्राम सलकनपुर जा रहे थे। उन्होंने इनोवा कार किराए पर ली थी। बुधवार सुबह पांच बजे वे घर से रवाना हुए। वह करीब डेढ़-दो किमी ही निकले होंगे, तभी सामने से आ रहे रेत से भरे डंपर ने उन्हें टक्कर मार दी। सड़क दुर्घटना में अनीता ओढ़ 38 वर्ष, उनकी बेटी नित्या 5 वर्ष, उनकी बुआ सास 55 वर्ष व चालक मनोहर गोयल 35 वर्ष की मौत हुई है। जबकि पति सुरजीत ओढ़ 43 वर्ष, इनकी मां रामबाई 70 वर्ष, भाई प्रमोद 45 वर्ष व बहन गुड्डी 55 वर्ष घायल हुए हैं। हादसे के बाद परिवार में शोक छाया हुआ है। 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  8 June 2022

Raisen, Uma , not perform Jalabhishek , Mahadev temple

रायसेन। मप्र की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती सोमवार को गंगोत्री का जल लेकर रायसेन किले के महादेव मंदिर में जलाभिषेक करने पहुंची, हालांकि केंद्रीय पुरातत्व विभाग से ताला खोलने की अनुमति नहीं मिली। जिसके बाद उमा भारती ने रायसेन किला मंदिर का ताला खुलने तक अन्न त्याग करने की बात कही और शिव मंदिर के गर्भगृह के बंद दरवाजे के बाहर से ही पूजन किया। रायसेन किला के शिव मंदिर में जलाभिषेक करने पहुंची उमा भारती के समर्थकों को किला के पहुंच मार्ग पर डेढ किमी दूर वेरीकेड्स लगकर रोक दिया। जिससे समर्थको में आक्रोश देखा गया। प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी हुई। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की ओर से मंदिर का ताला नहीं खोले जाने पर उमा भारती ने बाहर से मंदिर में जल चढ़ाया और कहा कि उन्हें यह नहीं पता था कि वास्तव में किस तरह की दिक्कत ताला नहीं खुलने के पीछे है। उनके जलाभिषेक का दिन तय होने के बाद जिला प्रशासन और राज्य शासन ने पुरातत्व विभाग को पत्र लिखा है। शासन ने इस मामले में अपने स्तर पर कार्यवाही की है। इसलिए वे पुरातत्व विभाग के निर्णय का इंतजार करेंगी और आज यहां गंगोत्री से लाया गया जल प्रशासन को सौंपकर जा रही हैं। इसके बाद उन्होंने घोषणा की कि वे मंदिर का ताला नहीं खुलने तक अन्न ग्रहण नहीं करेंगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वे ताला खुलवाने के लिए कोई प्रयास नहीं करेंगीं। यह राज्य सरकार का काम है। उमा ने कहा कि सुरक्षा के कारणों से अभी पुरातत्व विभाग ताला लगाए हुए है। यहां विवाद की कोई बात नहीं है। केंद्रीय प्रक्रिया जब पूरी हो जाएगी तब वे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ यहां आकर शिव जी का गंगोत्री से लाये जल से जलाभिषेक करेंगी। उमा भारती ने गंगोत्री से लाया गया गंगाजल से भरा कंटेनर रायसेन कलेक्टर अरविन्द दुबे की सुपुर्दगी में दिया है और कहा है कि इसे संभाल कर रखें। उन्होंने कहा कि यहां होने वाला जलाभिषेक सीएम शिवराज सिंह चौहान द्वारा आज से शुरू किए गए जलाभिषेक अभियान का ही हिस्सा था। वे भगवान का जलाभिषेक करना चाहती थीं। उनका कहना है कि वे अन्न का त्याग सिर्फ भावना व श्रद्धा से कर रही हैं। इसका अर्थ राज्य व केंद्र सरकार पर दबाव बनाना नहीं माना जाए। प्रक्रिया के तहत जब ताला खुलेगा तब वे अपने भाई सीएम शिवराज के साथ आकर मंदिर के टिक्कड़ बनवाकर खाएंगी। बता दें, रायसेन के किले स्थित शिव मंदिर का मामला पिछले दिनों उस समय सुर्खियों में आ गया, जब सीहोर के कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा ने रायसेन जिले में एक कथा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री चौहान के राज्य में रायसेन में शिव शंकर कैद में हैं। उन्होंने सरकार से इस मंदिर को तुरंत खोले जाने की मांग भी की। इस के बाद ही उमा भारती ने सोमवार 11 अप्रैल को जलाभिषेक करने की घोषणा की थी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 April 2022

  Osho Birthday

मौन समझाने  वाले "ओशो" का जन्मस्थान मौन   मौन की परिभाषा बताने वाले "ओशो" का जन्मस्थान  कुचवाड़ा मौन  है |  वहां सन्नाटा पसरा है  | कुचवाड़ा ओशो अनुयायियों के लिए तीर्थ है |  लेकिन प्रापर्टी विवाद  के चलते  कुचवाड़ा  में ताले पड़े हैं | कुचवाड़ा से अम्बुज माहेश्वरी की रिपोर्ट  |  दुनिया भर के लोगों को मौन की परिभाषा बताकर ध्यान के जरिये शांति का सूत्र देने वाले "ओशो" की जन्मस्थली कुचवाड़ा में इस बार उनके 89वे जन्मोत्सव पर न ध्यान होगा और अनुयायियों की धूम रहेगी  |  दरअसल फरवरी में आश्रम को लेकर प्रापर्टी विवाद सामने आने और फिर कोरोना के चलते यहां अनुयायियों की आवाजाही पर ब्रेक लग गया था  |  अब आश्रम के मुख्य द्वार में ताले पड़ गए हैं और यहां कोई आ जा नही रहा है |   आचार्य रजनीश के ओशो बन जाने के बाद कुचवाड़ा में उनके जन्मदिन पर होने वाले उत्सव में कई देशों से अनुयायी आते रहे हैं |  लेकिन  इस बार कुचवाड़ा में सब तरफ मौन ही मौन है और सन्नाटा पसरा हुआ है  |  आश्रम में केवल जापान की एक सन्यासिन है जो मौन धारण किये हुए है  | ओशो के शिष्य सत्यतीर्थ की फरवरी में मृत्यु के बाद समाधि निर्माण पर संकट आया और फिर देखते ही देखते संपत्ति विवाद बढ़ने लगे |  रायसेन जिले की बरेली, सिलवानी और उदयपुरा तहसीलों को जोड़ने वाला कुचवाड़ा खरगोन गांव से करीब 8 किलोमीटर दूर है  | ओशो का जन्म स्थल होने के कारण कुचवाड़ा गांव अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त है | जन्म के वक्त ओशो का नाम चंद्रमोहन जैन था और बचपन से ही उन्हें दर्शन में रुचि पैदा हो गई थी ऐसा उन्होंने अपनी किताब 'ग्लिप्सेंस ऑफड माई गोल्डन  चाइल्डहुड' में भी लिखा है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 December 2020

  Youth conference

चौधरी के लिए कार्तिकेय ने सम्हाला मोर्चा   रायसेन  में भाजपा युवा मोर्चा  ने  युवा सम्मलेन  के जरिये स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी के पक्ष में माहौल बना दिया है |  सम्मलेन में डॉ चौधरी भाजपा के युवा नेता कार्तिकेय सिंह चौहान और अभिलाष पांडे ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला | बीजेपी नेताओं ने कहा कि बीजेपी जो कहती है वही करती है यही वहज है कि उसके साथ सबसे ज्यादा युवा जुड़े हैं |  इसके पहले bjp के युवा नेताओं ने एक बड़ी रैली भी निकाली  |  रायसेन में  भाजपा युवा मोर्चा अध्यक्ष अभिलाष पांडे  के नेतृत्व में स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी के समर्थन में  रैली निकाली गई  और युवा सम्मलेन का आयोजन किया गया  |  युवा सम्मलेन को कई नेताओं ने सम्बोधित किया  | डॉ प्रभुराम चौधरी ,बीजेपी युवा मोर्चा के अध्यक्ष अभिलाष पांडे और युवा बीजेपी नेता कार्तिकेय सिंह चौहान ने  कांग्रेस के 15 महीने के शासन और कांग्रेस की कथनी और करनी का पर्दाफाश अपने भाषणों से कर दिया | युवा नेता   कार्तिकेय सिंह  के भाषण में  उनके  पिता शिवराज सा आकर्षण था |  22 मिनट के भाषण में कार्तिकेय ने प्रदेश से लेकर देश तक से जुड़े अहम मुद्दों पर बहुत प्रभावी ढंग से अपनी बात रखी और बीजेपी के पक्ष में माहौल बना दिया |  भाजपा युवा मोर्चा अध्यक्ष अभिलाष पांडे ने अपने उद्बोधन में कांग्रेस सरकार को काला कौवा बताया | उन्होंने  कहा  कि कमलनाथ कहते हैं कि BJP  झूठ   बोलती  हैं  | जबकि कांग्रेस सरकार स्वयं ही अपने वचनों से मुकर जाती है  |  स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने युवा सम्मलेन में कहा कि बीजेपी का दृश्टिकोण विकासात्मक है | . मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के नेतृत्व में पूरी बीजेपी एक है और हर कोई विकास के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को मजबूत करने का प्रयास कर रहा है  | डॉ प्रभुराम उपचुनाव में अपनी जीत को लेकट भी आश्वस्त नजर आये  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  23 September 2020

 VIDEO VIRAL

थूकेडे फल वाले पर पुलिस ने दर्ज की  FIR   कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण के दौरान रायसेन का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक फल बेचने वाला अपनी लार फलों पर लगाता दिख रहा है   | इस वीडिओ के वायरल होने के बाद पुलिस ने इस फल वाले के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है |  अपना थूक लगा कर  संतरा बेचने वाले का वीडियो वायरल होने के बाद लोगों ने सावधानी बरतना शुरू कर ऐसे लोगों का बहिष्कार शुरू कर दिया है |  इस वीडियो को लोग शेयर कर कोई भी सामान खरीदने में सावधानी बरतने की बात भी  कह रहे हैं  | रायसेन पुलिस ने इस मामले में फल बेचने वाले के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है  | एसपी मोनिका शुक्ला ने बताया कि यह वीडियो पुराना है और हम इस मामले में उचित कार्रवाई कर रहे हैं |  किसी को भी इसे लेकर चिंतित होने की जरूरत नहीं है |  सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे इस वीडियो में ठेले पर फल बेचने वाला व्यक्ति दिख रहा है |  जिसमें वो एक-एक फल को उठाता है और अपनी अंगुली से लार उसके ऊपर लगाकर उसे जमाकर रखता दिख रहा है  |  कुछ लोग इसे हाल का वीडियो बता रहे  हैं  |    जिसके बाद इलाके में संक्रमण फैलने की आशंका बताई जा रही  है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 April 2020

 2 MONTH 11 DEATH

नूरगंज में अभी 70 परिवार में 80 लोग बीमार   पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व मंत्री सुरेंद्र पटवा ने रायसेन के नूरगंज इलाके के पीड़ित लोगों से मुलाक़ात की प्रशासन की अनदेखी के चलते इस इलाके में दो महीने में 11 लोगों की मौत हो गई है  और अब भी सत्तर परिवारों के अस्सी लोग बीमार हैं |  सरकारी उदासीनता का शिकार इलाका है रायसेन जिले का नूरगंज  | नूरगंज भोपाल के पास बसा है इसके बावजूद यहाँ के हालत बद से बदत्तर हो गए  |  नूरगंज के लोग  पिछले ढाई महीने से अचानक बिमारियों की चपेट में आना शुरू हुए लेकिन इसके बावजूद न तो प्रशासन की नींद टूटी और न ही स्वास्थ्य महकमा जागा  |  इस इलाके के लिए मंत्री और सरकार जैसी सोये हुए हैं  |  नूरगंज ग्रामीण इलाका है और यहाँ बीते दो महीने में 11 लोग असमय मौत के मुँह में समा गए हैं  |  अब भी तमाम घरों में लोग बीमार पड़े हुए हैं |  पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व मंत्री सुरेंद्र पटवा नूरगंज पहुंचे और पीड़ित लोगों से मुलाक़ात की  |  पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि  नूरगंज जैसे गांव में 2 महीने में 11 मौत होना स्वाभाविक नहीं है  | सरकार सोई हुई है  | यह सब यह सहन करने लायक नहीं  | अभी  भी 70 परिवार में 80 लोग बीमार हैं  | अमानवीयता यह है कि प्राइवेट अस्पताल मरीजों का इलाज नहीं कर रहे हैं |   संकट के समय प्रशासन इलाज नहीं करवा पा रहा है  |  पिछले 4 दिन में चार मौत  हुई हैं  |  पूरा नूरगंज गांव डरा हुआ है  |  ऐसे में भी सरकार अभी भी नहीं चेत रही है  |  नूरगंज के लोगों की पीड़ा हर दिन बढ़ती जा रही है और उनकी सुनने वाला कोई नहीं है  | नूरगंज की पानी की पाइपलाइन 30 साल पुरानी है   | यहाँ से आने वाला गन्दा पानी ही नूरगंज के लोगों की सेहत बिगाड़ रहा है  |   

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  20 November 2019

 KISHAN SUISIDE

दो लाख नहीं मिले किसान ने की खुदकशी फसल बर्बाद होने से परेशान था किसान   मुख्यमंत्री कमलनाथ जी  आपकी दस दिन में कर्जमाफी की बात झूठ साबित हो रही है |  आपकी सरकार की कर्ज माफ़ी की घोषणा के बाद भी कर्ज माफ़ नहीं  होने से एक किसान बेहद परेशान था   | ऐसे में अति वर्षा ने उसकी फसल चौपट कर दी  किसान को जब कुछ समझ नहीं आया तो उसने अपने खेत में फांसी लगा कर जान दे दी  |  एक तरफ किसानों का कर्ज माफ़ नहीं हुआ है दूसरी तरफ अतिवर्षा ने फसलें चौपट कर दी हैं  | ऐसे में भी राज्य सरकार अब तक किसानों के पास राहत नहीं पहुंचा रही है  |  इन सारे हालातों से परेशान हो कर एक किसान ने खुदकशी कर ली |  इस किसान पर काफी कर्जा था उसे लगा दो लाख का कर्ज सरकार माफ़ कर ही देगी  | बाकी वह मेहनत से फसल खड़ी कर पैसा कमायेगा और सब का कर्ज चुका देगा लेकिन कमलनाथ सरकार की कर्ज माफ़ी की बात इस किसान के लिए झूठ का पुलंदा साबित हुई  | और रही सही कसार अतिवर्षा ने पूरी कर दी |  लिहाजा इस किसान ने अपने खेत में  पेड़ पर फंदा डालकर फांसी लगा ली  |  रायसेन जिले के बेगमगंज के तुलसीपुर में  किसान वीरेंद्र सिंह ने अपने खेत में  पेड़ से लटककर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली   |  मृतक के भाई सुरेश यादव ने बताया कि उनके भाई   वीरेंद्र सिंह यादव  पिछले कुछ दिनों से अपने खेत में बर्बाद फसल को देख परेशान था |  उनका दो लाख का कर्ज भी माफ़ नहीं हुआ था  | पुलिस ने इस मामले मार्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है  |                               

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  7 October 2019

 ACCIDENT

7 यात्रियों की मौत,36 यात्री  घायल   भोपाल से छतरपुर जा रही यात्री बस देर रात  रीछन नदी के पुल से नीचे गिर गई थी  |  इस हादसे में सात लोगों की मौत हो गई है  |  वहीं तीन दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं  |  इस हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों को प्रदेश सरकार ने 4-4 लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया है  |  भोपाल से छतरपुर जा रही यात्री बस रायसेन से पहले दरगाह के पास रीछन नदी के पुल से नदी में गिर गई  |  यह हादसा रात डेढ़ बजे के करीब हुआ  |   इस हादसे में सात यात्रियों की मौत की पुष्टि हुई है   | लेकिन उनकी शिनाख्त नहीं हो पाई है, जबकि तीन दर्जन से ज्यादा लोगों के घायल होने की जानकारी है  ... कोतवाली पुलिस के मुताबिक छतरपुर जा रही बस पुल पर पहुंचने से पहले अनियंत्रित होकर नदी में जा गिरी  |  रात होने की वजह से अधिकतर यात्री नींद में थे  |  बस के गिरते ही चीखपुकार मच गई  | जिसे सुनकर स्थानीय लोग मदद के लिए तत्काल मौके पर पहुंच गए  |  वहीं लोगों ने पुलिस को सूचित किया जिस पर कोतवाली पुलिस बस व एसडीआरएफ की टीम भी राहत के लिए तत्काल मौके पर पहुंच गई | रात ढाई बजे तक सात यात्रियों के शव नदी में आधी डूबी बस से निकाले जा चुके थे  |  वहीं 3 दर्जन से ज्यादा घायल यात्रियों को बस से निकालकर इलाज के लिए विभिन्न वाहनों से रायसेन जिला अस्पताल भेजा गया   |  घायलों में कुछ यात्रियों की स्थिति गंभीर है  |  बताया जा रहा है कि यहां पुलिया के पास एक गड्ढा है, इसमें तेज रफ्तार बस का बैलेंस बिगड़ गया और वह ब्रिज की रेलिंग तोड़ते हुए सीधे उफनती हुई नदी में जा गिरी  |  हादसे में कुछ यात्रियों के पानी में बहने की बात भी सामने आ रही है  |  हादसे में यात्रियों को बचाने के लिए पानी में उतरी रेस्क्यू टीम को अंधेरे में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा  | बस में फंसे यात्रियों को निकालने में टीम के कुछ सदस्यों को बस की खिड़की के कांच भी लग गए  |  बस को रस्सी के सहारे खींचकर सीधा किया गया और फिर यात्रियों को रस्सी के जरिए लाइफ जैकेट पहनाकर बाहर निकाला गया  |   रेडक्रॉस से  फौरी मदद के तौर पर मृतकों के परिजनों को 10-10 हजार रुपए की आर्थिक सहायता  दी जा रही है  |  वहीं दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हुए लोगों को साढ़े सात हजार रुपए और घायलों को पांच-पांच हजार रुपए की सहायता राशि दी  गई   |  आज सुबह प्रदेश के शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधऱी घायलों से मिलने रायसेन अस्पताल पहुंचे और उन्होंने बताया मृतकों के परिजनों को शासन चार चार लाख रुपये की आर्थिक मदद देगा   |                 

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  3 October 2019

 शिवराज ने ग्राम रतनपुर में किया श्रमदान

रायसेन जिले को 19 नवम्बर तक ओडीएफ करने का लक्ष्य  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज रायसेन जिले के ग्राम रतनपुर में 'स्वच्छता ही सेवा'' अभियान के तहत प्रदेश भर में चलाये जा रहे शौचालय के लिए गढ्ढा खोदने के अभियान में शामिल हुए। उन्होंने साँची-रायसेन मार्ग पर ग्राम रतनपुर में ट्विन-पिट खोदने की शुरूआत की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गाँवों को स्वच्छ रखने के लिये 'स्वच्छता ही सेवा'' अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के दौरान पूरे प्रदेश में आज ही दो लाख गड्डे खोदने का लक्ष्य है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि आगामी 19 नवम्बर तक पूरे रायसेन जिले को ओडीएफ घोषित कर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के जन्म-दिवस के अवसर पर स्वच्छता को प्राथमिकता देने वाले कार्य शुरू किये जा रहे हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा शुरू किया गया स्वच्छता अभियान अब सीधे आमजन से जुड़ा अभियान बन गया है। मध्यप्रदेश की जनता भी इस अभियान में बढ़-चढ़कर भाग ले रही है। श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में जिन क्षेत्रों में स्वच्छता अभियान के अपेक्षित परिणाम नहीं मिले हैं, उनमें अभियान के तहत 2 अक्टूबर गाँधी जयंती तक विशेष प्रयास किये जाएंगे।  श्री चौहान ने कहा कि खुले मे शौच जाना बीमारियों को बढ़ावा देना है। जहाँ स्वच्छता है, वहीं स्वस्थ जीवन है। उन्होंने प्रदेश के शौचालयविहीन घरों में रहने वाले परिवारों से शौचालय बनवाने की अपील करते हुए कहा कि प्रदेशवासी खुले में शौच नहीं जाने का संकल्प लें। तभी स्वस्थ्य एवं स्वच्छ भारत का निर्माण होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर स्वच्छता रथ को हरी झण्डी दिखाकर गाँव-गाँव, घर-घर जाने के लिये रवाना किया। जिले के प्रभारी मंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा, साँची जनपद अध्यक्ष श्री एस. मुनियन, नगर पालिका अध्यक्ष श्री जमना सेन, अपर मुख्य सचिव श्री आर.एस. जुलानिया सहित बड़ी संख्या में ग्रामवासी इस अवसर पर उपस्थित थे।    

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  18 September 2017

नमामि देवि नर्मदे -सेवा यात्रा

'नमामि देवि नर्मदे -सेवा यात्रा  रायसेन जिले के प्राचीन नर्मदा घाट सिद्ध स्थान पतई पहुँची। यात्रा का जिले में आठवें दिन भी भव्य स्वागत किया गया। नर्मदा मैया के हजारों उपासक दोपहर बाद ही बड़ी संख्या में पतई घाट पहुँचकर नर्मदा स्नान और पूजन का पुण्य प्राप्त कर रहे थे। क्षेत्र के जन-प्रतिनिधियों ने पतई आगमन पर यात्रा की पुष्पहारों से अगवानी की। नर्मदा सेवा यात्रा के आगमन के पहले पतई ग्राम को स्थानीय रहवासी ने साफ और सुंदर बनाने के लिए श्रमदान भी किया। गाँव की गलियों में बालिकाओं ने रंगोली बनाकर नर्मदा यात्रियों के प्रति सम्मान व्यक्त किया। लोक निर्माण मंत्री  रामपाल सिंह ने नर्मदा यात्रा के व्यापक उदृदेश्यों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने आमजन को नर्मदा नदी सहित अन्य नदियों और जल स्त्रोतों को संरक्षण में सहयोग देने के साथ ही सामाजिक कुरीतियों को समाप्त करने का संकल्प दिलवाया। स्थानीय प्रतिभाओं ने प्रभावशाली नृत्य और गीत प्रस्तुत किये। जनपद अध्यक्ष श्री वीरेन्द्र सिंह चौहान ने कहा कि नर्मदा यात्रा और क्षेत्र के विकास में मंत्री श्री रामपाल सिंह के विशेष प्रयास रहे हैं। कलेक्टर श्रीमती भावना वालिम्बे ने बताया कि रायसेन जिले में करीब 2 लाख संकल्प पत्र भरे जायेंगे। जिले की जनता पर्यावरण संरक्षण के लिए तैयार हो चुकी है। बुधवार को दोपहर बाद नर्मदा सेवा यात्रा को रायसेन जिले से जन-प्रतिनिधियों ने विदाई दी । रायसेन जिले के ग्राम टिमरावन में बुधवार की दोपहर नर्मदा सेवा यात्री भण्डारे में शामिल होने के बाद नरसिंहपुर जिले के हीरापुर की ओर रवाना हुई । लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह ने नर्मदा सेवा यात्रा में निरंतर उपस्थित रहकर नर्मदा यात्रियों का उत्साह बढ़ाया है। सीहोर और रायसेन जिले के अनेक नर्मदा घाटों पर श्री रामपाल सिंह ने कार्यक्रमों के सफल संचालन को सुनिश्चित करने के लिए क्षेत्रीय नागरिकों की अधिक-अधिक से भागीदारी के लिए वातावरण तैयार किया। रायसेन जिले के उदयपुरा क्षेत्र से नरसिंहपुर जिले के चावरपाठा विकास खण्ड में नर्मदा सेवा यात्रा के प्रवेश के लिये भी स्थानीय जनता में उत्साह है। मंत्री श्री रामपाल सिंह ने यात्रा में भागीदारी के लिए नागरिकों का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने यह भी विश्वास व्यक्त किया है कि मध्यप्रदेश में जीवनदायिनी नर्मदा मैया के संरक्षण के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान की भावना का सम्मान करते हुए समाज के सभी वर्ग इसी प्रकार सहयोग करते रहेंगे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 April 2017

narmda seva yatra

मुख्यमंत्री चौहान रायसेन के ग्राम बोरास के जन-संवाद में रायसेन जिले में नर्मदा तट पर स्थित बोरास घाट पर 'नमामि देवि नर्मदे''-सेवा यात्रा के जन-संवाद में आनंद मार्ग के संत स्वामी विमलानंद महाराज, सुप्रसिद्ध क्रिकेट कमेंटेटर श्री सुशील दोषी और जाने-माने गजल गायक श्री तलत अजीज ने नर्मदा नदी के संरक्षण के अभियान को अभिनंदनीय और महत्वपूर्ण बताया। अपने-अपने क्षेत्र की इन सुप्रसिद्ध हस्तियों ने नर्मदा संरक्षण अभियान के संचालन के लिये मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान की भूरि-भूरि प्रशंसा की। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह श्री दत्तात्रेय होसबोले ने यात्रा को जनता में आशा और विश्वास का माहौल पैदा करने वाली बताया। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि नर्मदा नदी के तटों पर एक समय ऐसी उपयोगी घास की प्रजातियाँ हुआ करती थीं, जो पशु चारे के लिए उपयोग में लाई जाती थी। यह हमारे प्रदेश की जैव-विविधता का एक विशिष्ट उदाहरण भी था। इस विशिष्टता को पुनः हासिल करने के लिए राज्य सरकार आवश्यक कदम उठाएगी। श्री चौहान ने बताया कि आगे आने वाले समय में क्षिप्रा, ताप्ती और बेतवा के संरक्षण के लिए भी ऐसे अभियान चलाये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने नर्मदा सेवा यात्रा को बहु-उद्देशीय और बहु-उपयोगी बताया। उन्होंने कहा कि सकारात्मक संदेशों के साथ शुरू हुई यह यात्रा पूर्ण होने की अवधि तक अपनी उपयोगिता बड़े वर्ग तक पहुँचायेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आम जनता का आव्हान किया कि आगामी दो जुलाई को अमरकंटक से बड़वानी तक नर्मदा नदी के तट से एक-एक किलोमीटर दूर तक चलने वाले वृक्षारोपण कार्यक्रम में अपनी सहभागिता सुनिश्चत करें। इससे आगे आने वाले वर्षों में भी नर्मदा को वन पोषित जल मिलना सुनिश्चित होगा। श्री चौहान ने कहा कि आज मध्यप्रदेश में नर्मदा नदी से सिंचाई का 30 प्रतिशत काम संभव हुआ है। मध्यप्रदेश गेहूँ उत्पादन में पंजाब और हरियाणा से आगे बढ़ चुका है। श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा ग्लेशियरों से निकल कर नहीं बहती बल्कि इसके किनारे लगे घने वृक्षों द्वारा वर्षा ऋतु में ग्रहण किये गये जल से अविकल बहती है। उन्होंने कहा कि नर्मदा नदी को साफ और सदा नीरा बनाये रखना जरूरी हो गया है। इसी पर प्रदेश के लोगों का जीवन निर्भर है। करीब पचपन नगरों की पेयजल की आपूर्ति करने वाली माँ नर्मदा को बचाये रखने के लिये ठोस और गंभीर प्रयास करना जरूरी है। सरकार यह काम अकेले नहीं कर सकती। समाज के सभी लोगों को आगे बढ़कर साथ देना होगा। उन्होंने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा के बाद सभी के सहयोग से नर्मदा सेवा मिशन चलता रहेगा। इसके लिए नर्मदा तटों के किनारे आबादी वाले क्षेत्रों में नर्मदा सेवा समितियाँ बनायी गयी हैं। इन समितियों में सरकार सहयोगी की भूमिका में होगी। श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में जन सहयोग से नर्मदा संरक्षण अभियान बन गया। नर्मदा सेवा माँ की सेवा समान - श्री होसबोले राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सर कार्यवाह श्री दत्तात्रेय होसबोले ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा ने नदी संरक्षण के लिए जनता में आशा और विश्वास का माहौल पैदा किया है। नर्मदा भौतिक जीवन के लिए आधार और आध्यात्मिक जीवन के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है। नर्मदा की सेवा मॉ की सेवा के समान है। नदी संरक्षण का यह अभियान विश्व के लिये अनुकरणीय-स्वामी विमलानंद आनंद मार्ग के संत स्वामी विमला नंद महाराज ने कहा कि विश्व में भारत ही एक मात्र ऐसा देश है जहाँ नदी को माँ का दर्जा प्राप्त है। उन्होंने कहा कि बच्चों की पाठ्य-पुस्तकों में नर्मदा सेवा यात्रा का उल्लेख होना चाहिए ताकि आगे आने वाली पीढ़ियों को नदी संरक्षण का महत्व समझ में आए। आजाद भारत में पहली बार नदी संरक्षण का प्रयास मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा किया जा रहा है। वह पूरे विश्व के लिए अनुकरणीय है। नर्मदा यात्रा से दाण्डी यात्रा का स्मरण-श्री सुशील दोषी सुप्रसिद्ध क्रिकेट कमेंटेटर श्री सुशील दोषी ने कहा कि नर्मदा यात्रा से उन्हें गांधी जी की दांडी यात्रा का स्मरण हो रहा है जो व्यापक उद्देश्यों को लेकर निकाली गई थी। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नर्मदा मैया के संरक्षण के लिए आम जनता के साथ पशु-पक्षियों के हित में यह महत्वपूर्ण अभियान संचालित किया है। नर्मदा नदी सभी को पानी देने के साथ ही समृद्धि का आशीर्वाद भी देती है। यह सिर्फ एक नदी के संरक्षण का अभियान न होकर संपूर्ण प्रकृति के संरक्षण का अभियान है। नर्मदा सेवा यात्रा में हाथ मिला के चलो-श्री तलत अजीज  जाने-माने ग़जल गायक श्री तलत अज़ीज ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा निकालने के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान विशेष बधाई के पात्र हैं। यह कदम दूरदर्शी होने का प्रमाण है। श्री तलत अजीज ने बताया कि उन्होंने नर्मदा मैया पर एक रचना भी तैयार की है। श्री अजीज ने गज़ल गायन के अंदाज में गीत- “कदम मिलाके चलो, अब कदम मिलाके चलो, नर्मदा सेवा यात्रा में हाथ मिला के चलो, ये देश ऋषियों-संतो का है, ये देश गाती झूमती नदियों का है, कदम मिला के चलो…” सस्वर गाकर भी सुनाया।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  4 April 2017

नर्मदा नदी और पर्यावरण संरक्षण

मुख्यमंत्री  चौहान ने जन-संवाद कार्यक्रम को किया संबोधित  मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि हमारे संतों ने मानव जीवन का लक्ष्य परमात्मा की प्राप्ति और लोक-कल्याण को बताया है। उन्होंने बताया कि ईश्वर को पाने के तीन रास्ते हैं। इसमें एक रास्ता ज्ञान मार्ग का, दूसरा भक्ति का और तीसरा रास्ता कर्म मार्ग का है। मैंने कर्म मार्ग अपनाकर लोक-कल्याण का संकल्प लिया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज नर्मदा सेवा यात्रा में रायसेन जिले के भारकच्छ में जन-संवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को अपना कर्म पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ करना चाहिये। वही उसके सुखद भविष्य और परलोक सुधार का मार्ग सशक्त करेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री होने के नाते मेरा काम केवल प्रदेश का विकास करना ही नहीं है, बल्कि अपनी संस्कृति, परम्परा, धरोहरों और पर्यावरण का संरक्षण करना भी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जब मैं अमरकंटक गया था, तब वहाँ नर्मदा में बूँद-बूँद पानी रिसते देखकर मन में यह विचार आया कि माँ नर्मदा का संरक्षण करना होगा। उन्होंने कहा कि समय रहते हम नहीं जागे तो हमारी नदियाँ और हरियाली नष्ट हो जायेगी। हमें इन्हें भविष्य के लिये बचाना होगा। उन्होंने कहा कि बेतवा और ताप्ती नदियों के पास वनों की अँधाधुँध कटाई के कारण इनमें भी बहने वाला पानी कम हुआ है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा संरक्षण का कार्य जन-भागीदारी से किया जायेगा। जन-सामान्य को जागरूक करने के लिये नर्मदा सेवा यात्रा निकाली जा रही है। उन्होंने कहा कि नर्मदा नदी में पानी के बहाव को बढ़ाने के लिये नदी के दोनों तटों पर बड़ी संख्या में पेड़ लगाने होंगे। उन्होंने कहा कि 11 दिसम्बर से अमरकंटक से प्रारंभ हुई नर्मदा सेवा यात्रा को व्यापक जन-समर्थन मिल रहा है और इस यात्रा ने बड़े आंदोलन का रूप ले लिया है। आज नर्मदा यात्रा की चर्चा न केवल देश में हो रही है, बल्कि दुनिया के अनेक देशों में इसकी चर्चा हो रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि नर्मदा आंदोलन को समाज के प्रत्येक धर्मगुरु का समर्थन मिला है। सभी धर्मगुरु का मत है कि आगे आने वाली पीढ़ी को यदि हमें नदियाँ सुरक्षित देनी है तो हमें इन्हें साफ रखना होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा में किसानों के हितों का भी ख्याल रखा गया है। किसानों को अपनी निजी भूमि पर फलदार पेड़ लगाने के लिये 3 वर्ष तक 20 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर राशि अनुदान के रूप में दी जायेगी। उन्होंने बेटी बचाओ की चर्चा करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने महिलाओं के हितों में प्रभावी निर्णय लिये हैं। महिलाओं को सरकारी नौकरी में 50 प्रतिशत और पुलिस सेवा में 33 प्रतिशत आरक्षण दिया जा रहा है। जन-संवाद कार्यक्रम को साध्वी प्रज्ञा भारती, श्रीलंका बौद्ध सोसायटी के विमल तिस्स, विधायक श्री रामकिशन पटेल ने भी संबोधित किया। जन-संवाद कार्यक्रम में बड़ी संख्या में नागरिक मौजूद थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 March 2017

नमामि देवि नर्मदे-सेवा यात्रा

नमामि देवि नर्मदे - सेवा यात्रा आज सुबह ग्राम जैत से रवाना होकर नजदीक के गाँव नांदनेर पहुँची। यात्रा के 101वें दिन नांदनेर में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान यात्रा में शामिल हुए। नांदनेर में जन-संवाद में श्री चौहान ने कहा कि समाज में महिलाओं एवं बालिकाओं को आगे बढ़ने के लिये हर संभव अवसर उपलब्ध करवाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि महिलाओं को नौकरियों और स्थानीय निर्वाचन में आरक्षण देकर उन्हें आत्म-निर्भर बनाने में मदद की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा का मूल उद्धेश्य जल एवं पर्यावरण संरक्षण के प्रति लोगों में जागरूकता लाना है। साथ ही नशे से होने वाले दुष्प्रभाव और स्वच्छता के प्रति जन-जागरण और बेटियों के सम्मान को बनाये रखने के लिये नर्मदा सेवा यात्रा प्रारंभ की गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा नदी के दोनों तटों पर सघन वृक्षारोपण करवाया जायेगा। दोनों तट से 5-5 किलोमीटर क्षेत्र में शराब की दुकान आगामी 1 अप्रैल से बंद हो जायेगी। नर्मदा तट पर बसे शहरों में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाकर गंदे पानी को नर्मदा में मिलने से रोकने की व्यवस्था की जायेगी। नर्मदा सेवा यात्रा का सीहोर जिले के ग्राम कुसुमखेड़ा एवं बम्हौरी में भी आगमन हुआ। स्थानीय ग्रामीणों ने यात्रा का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। मध्प्रदेश वेयरहाउसिंग कार्पोरेशन के अध्यक्ष श्री राजेन्द्र सिंह राजपूत, वन विकास निगम के अध्यक्ष श्री गुरूप्रसाद शर्मा, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री शिव चौबे, मार्कफेड के अध्यक्ष श्री रमाकांत भार्गव, साध्वी सुश्री प्रज्ञा भारती और विधायक श्री विजयपाल सिंह भी उपस्थित थे। इसके पहले जैत में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने एक बैठक में नर्मदा सेवा यात्रा के ग्राम जैत आगमन के दौरान सफल कार्यक्रम के लिये विभिन्न विभागीय अधिकारी और कर्मचारियों द्वारा की गई व्यवस्थाओं की सराहना की। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी नर्मदा सेवा यात्रा के प्रमुख उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिये सभी अधिकारी-कर्मचारियों को सतत प्रयास करने होंगे। उन्होंने जैत सहित अन्य ग्रामों में नर्मदा सेवा यात्रा की सफलता के लिये जन-प्रतिनिधियों और संतों का आभार प्रकट किया।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  29 March 2017

google

रायसेन जिले के गूगलबाड़ा में मुख्यमंत्री श्री चौहान   मॉं नर्मदा मध्यप्रदेश की जीवन दायिनी नदी ही नहीं, बल्कि हम सभी की आस्था का बड़ा केन्द्र भी है। माँ नर्मदा का जल शुद्ध और पवित्र रहे तथा नर्मदा अविरल बहती रहे इसके लिए हमने 'नमामि देवी नर्मदे'-नर्मदा सेवा यात्रा शुरू की है। यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रायसेन के गूगलवाड़ा में कही। श्री चौहान ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा शुरू होने से निरन्तर लोगों की भागीदारी बढ़ रही है। यात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल हो रहे हैं। नदी संरक्षण के अभिनव और दुनिया के सबसे बड़े अभियान को मिल रहे व्यापक जन-समर्थन  को देखते हुए निश्चित तौर पर कहा जा सकता है कि यह अभियान जिस उद्देश्य को लेकर शुरू किया गया है उसमें सफलता मिलेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-समुदाय से नर्मदा में गंदगी न डालने और अधिक से अधिक पौघ रोपण पर सहयोग करने की अपील की है। श्री चौहान ने कहा कि यह जन-जन का अभियान है इसमें सभी की भागीदारी होनी चाहिए। कैंसर पीड़ित से मिलकर इलाज की व्यवस्था की मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गूगलवाड़ा में कैंसर पीड़ित 72 वर्षीय अमर जीत सिंह से उनके घर जाकर भेंट की। श्री चौहान ने श्री सिंह का समुचित इलाज करवाने के लिये भोपाल भिजवाने के निर्देश दिये। श्री चौहान ने अपनी बुआजी स्वर्गीय श्रीमती तेजश्री बाई के निवास पर पहुँचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। श्रीमती तेजश्री बाई का 29 दिसम्बर 2016 को निधन हो गया था। इस अवसर पर लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, विधायक श्री रामकिशन पटेल, एमपीएग्रो के अध्यक्ष श्री रामकिशन चौहान और जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री शिवाजी पटेल उपस्थित थे।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  10 January 2017

murti

    राज्य शासन के पुरातत्व विभाग की इकाई बी.एस.वाकणकर पुरातत्व शोध संस्थान को रायसेन जिले के ग्राम रिछावर में दसवीं और ग्यारहवीं शताब्दी की प्रतिमाएँ मिली हैं। परमार-कल्चुरी शैली के संयुक्त प्रभावयुक्त दो मंदिर, 30 से अधिक प्राचीन-दुर्लभ प्रतिमा और स्थापत्य खण्ड भी मिले हैं। पुरातत्व आयुक्त अनुपम राजन ने बताया कि रिछावर ग्राम नर्मदा नदी किनारे स्थित होने से ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है। यह क्षेत्र परमार-कल्चुरी राजवंशों का संघर्ष स्थल माना गया है। यहाँ से प्राप्त मंदिर और प्रतिमाओं में परमार एवं कल्चुरी दोनों शैली का प्रभाव देखा गया है। ऐतिहासिक मंदिर मिले शोध कार्य के पहले मंदिर का मूल स्वरूप नए निर्माण के नीचे भू-गर्भ में था। खुदाई करते समय कल्चुरी शैली का 10वीं- 11 वीं शताब्दी की मंदिर संरचना मिली। संरचना की विशेषता यह है कि मंदिर के बाहरी निचले भाग अंलकृत होने के साथ ही तीन दिशा में प्रतिमाएँ स्थापित हैं। इसमें शिव की अनेक प्रतिमा,गणेश,इन्द्राणी, ब्रह्माणी, माहेश्वरी,कार्तिकेय, ब्रह्मा एवं विष्णु भगवान की दुर्लभ प्राचीन प्रतिमा मिली हैं। दूसरा मंदिर 45 फीट लम्बाई एवं 31 फीट चौड़ाई में प्राप्त हुआ। इसमें भी 8 प्रतिमा मिली हैं। दुर्लभ प्रतिमाएँ हिन्दू देवी-देवताओं में दुर्लभ ब्रह्मा की प्रतिमा 61 से.मी. ऊँची और 40 से.मी.चौड़ी है। प्रतिमा 24 भुजा के साथ ही जनेऊ धारण किये हैं, नीचे वाहन हंस भी है। विष्णु भगवान की प्रतिमा 61 से.मी. एवं 40 से.मी. चौड़ाई में है। सिर पर किरीट मुकुट और 8 भुजाएँ हैं। प्रतिमा के नीचे मानवाकार गरुड़ भी है। शिवपुत्र कार्तिकेय की 8 भुजाओं से युक्त प्रतिमा 51 से.मी.ऊँची एवं 37 से.मी. चौड़ाई में निर्मित है। प्रतिमा मोर पर विराजमान है। सिर पर जटा मुकुट है। उमा-महेश्वर की 48 से.मी. ऊँची प्रतिमा अपने वाहन वृषभ और सिंह पर सवार दिखाई देती है। पुरातत्व आयुक्त श्री अनुपम राजन ने दुर्लभ प्रतिमाओं एवं मिले मंदिर के खोज कार्य में शोध संस्थान के शोध अधिकारी डॉ. जिनेन्द्र जैन सहित पुरातत्व संग्रहालय के अमले को इस कामयाबी के लिये बधाई दी है।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  14 December 2016

तामोट और बिलौआ में प्लास्टिक पार्क

प्लास्टिक पार्क में 187 करोड़ के अधोसंरचना कार्य   प्रदेश में भारत सरकार की प्लास्टिक पार्क योजना में उद्योग एवं वाणिज्य विभाग द्वारा रायसेन जिले के तामोट और ग्वालियर जिले के ग्राम बिलौआ में प्लास्टिक पार्क विकसित किये जा रहे हैं। इन प्लास्टिक पार्क के विकास पर 187 करोड़ रुपये के अधोसंरचना कार्य करवाये जा रहे हैं। रायसेन जिले के तामोट में 50 हेक्टेयर भूमि पर प्लास्टिक पार्क विकसित किया जा रहा है। यहाँ बिजली, सड़क, पानी समेत अन्य अधोसंरचना कार्य पर 105 करोड़ रुपये खर्च किये जा रहे हैं। रायसेन जिले का तामोट नेशनल हाइवे-12 ओबेदुल्लागंज से 8 किलोमीटर दूर है। यहाँ 14 किलोमीटर की वॉटर सप्लाई लाइन बिछाई जा रही है। पाइप लाइन के माध्यम से 1.8 एमएलडी पानी की सप्लाई की जा सकेगी। क्षेत्र में 132 के.व्ही. का सब-स्टेशन भी लगाया जा रहा है। स्ट्रीट लाइट व्यवस्था के लिये अंडरग्राउण्ड केबलिंग की जा रही है। प्लास्टिक पार्क में 0.14 एमएलडी क्षमता का 4.7 किलोमीटर का सीवेज सिस्टम तैयार किया जा रहा है। ग्वालियर जिले के बिलौआ में 33 हेक्टेयर भूमि पर 82 करोड़ के अधोसंरचना कार्य करवाये जा रहे हैं। प्लास्टिक पार्क बिलौआ नेशनल हाईवे क्रमांक-75 से 4 किलोमीटर दूर है। पार्क में 13 एकड़ भूमि में पर्यावरण की दृष्टि से पेड़-पौधे लगाये जायेंगे। क्षेत्र में 2.5 एमएलडी क्षमता का वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट भी लगाया जा रहा है। प्लास्टिक पार्क बिलौआ नेशनल केपिटल रीजन की परिधि में आता है। इन दोनो प्लास्टिक पार्क में संचार, बैंकिंग और अग्निशमन सेवा भी विकसित की जा रही है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 November 2016

shivraj singh kanyapujan

मुख्यमंत्री निवास पर हुआ कन्या भोज  मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने अपने निवास पर कन्या भोज का आयोजन किया।  चौहान एवं उनकी धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह चौहान ने परंपरागत रूप से कन्याओं के चरण धोये और आरती उतारी। मंत्रोचारण के साथ उन्होंने कन्याओं को भोजन कराया। श्री चौहान ने कहा कि बेटियाँ आदि शक्ति का स्वरूप और भारत का भविष्य हैं। भोजन के बाद श्री चौहान ने नन्ही भांजियों के साथ आत्मीय क्षण बितायें। उन्होंने कन्याओं का लाड़-दुलार किया। कंकाली मंदिर में दर्शन किये मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह के साथ आज यहाँ माँ कंकाली मंदिर के दर्शन किये। श्री चौहान ने पारम्परिक विधि-विधान से पूजा-अर्चना की। उन्होंने माँ के चरणों में देश-प्रदेश की समृद्धि और प्रदेशवासियों के कल्याण की प्रार्थना की। मुख्यमंत्री ने झांकियों के दर्शन मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह के साथ भोपाल भ्रमण किया। उन्होंने शारदीय नवरात्र के अवसर पर विभिन्न स्थानों पर स्थापित झांकियों के दर्शन किये। माँ दुर्गा का पारंपरिक विधि विधान से पूजन किया।श्री चौहान ने माँ के चरणों में प्रार्थना की है कि सब सुखी हो, सब निरोगी हो, सबका कल्याण हो, सब पर माता की कृपा बरसें। सबके के जीवन में सुख-समृद्धि, रिद्धि-सिद्धि आये। उन्होंने जय माँ पाताल भैरवी कोटरा, कालीबाड़ी बीएचईएल और दुर्गा उत्सव समिति विजय मार्केट, बरखेड़ा में प्रतिष्ठित माँ दुर्गा की झांकियों के दर्शन किये।  

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  11 October 2016

मंत्री पुत्र अभिषेक भार्गव को अदालत ने दी जमानत

मध्यप्रदेश के रायसेन जिले की एक अदालत ने निवेशकों के साथ कथित धोखाधडी से जुडे मामले में आज राज्य सरकार के मंत्री गोपाल भार्गव के पुत्र अभिषेक भार्गव को 50 हजार के मुचलके और 20 लाख की एफ डी जमा करने के निर्देश पर जमानत दे दी। अदालत ने कल अभिषेक भार्गव समेत तीन लोगों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। उसी के संबंध में अभिषेक भार्गव आज अदालत में पेश हुए थे। जिले की चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश श्रीमती तृप्ति शर्मा ने जमानत दी। सागर जिले के गढाकोटा निवासी अभिषेक भार्गव श्रद्धा सबूरी कमोडिटीज प्राइवेट लिमिटेड नाम की वित्तीय कंपनी के संचालक मंडल में प्रबंधक की हैसियत से कार्यरत हैं। उनके साथ ही  हरियाणा राज्य के सिरसा निवासी पंकज कुमार और हरियाणा के ही दीपक गावा नाम के व्यक्तियों के खिलाफ वारंट जारी किया गया था। अदालत ने इन तीनों के खिलाफ दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 319 के तहत प्रस्तुत आवेदन पर वारंट जारी किया। प्रकरण के सिलसिले में अधिवक्ता विजय धाकड़ ने बताया कि रायसेन में बसंत उपाध्याय नाम का व्यक्ति श्रद्धा सबूरी कमोडिटीज प्राइवेट लिमिटेड नाम की वित्तीय कंपनी में कर्मचारी की हैसियत से कार्यरत था। वह निवेशकों से धनराशि लेता और उसे काफी अधिक दर के अनुरूप ब्याज समेत वापस करने की बात करता था। इस तरह उसने अनेक निवेशकों से रूपए जमा कर लिए। कुछ समय पहले यह कार्यालय बंद हो गया। इसके बाद मामले की शिकायत पुलिस से की गयी। इस मामले के साक्षी राजेश कुमार और विन्ध्येश्वरी नायक ने अपने कथनों में यह स्पष्ट किया कि मुख्य आरोपी बसंत उपाध्याय के द्वारा कंपनी के नाम से कार्यालय खोलकर इसी कंपनी के कर्मचारी की हैसियत से निवेशकों की राशि कंपनी के नाम पर निवेशित करायी। मुख्य आरोपी बसंत उपाध्याय पहले ही गिरफ्तार हो चुका है। इस मामले की सुनवायी के लिए अगली तिथि आगामी 19 अक्टूबर तय की गयी है।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  27 September 2016

aap mp

  आप नेता आलोक अग्रवाल का आरोप        आज आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य व प्रदेश संयोजक  अलोक अग्रवाल ने रायसेन में भाजपा विधायक रामकिशन पटेल के चचेरे भाई कुबेर सिंह की अस्पताल में उपचार न मिल पाने से हुई मृत्यु पर दुख व्यक्त करते हुए कहा है कि पूरे प्रदेश को ही तबाह करके रख दिया है शिवराज सरकार ने। पूरे प्रदेश की व्यवस्था चरमरा चुकी है।  स्वस्थ्य, शिक्षा जैसी बुनियादी जरूरतों को तिलांजलि दे कर पता नहीं कौन सा विकास कर रही है ये शिवराज सरकार ?    आम आदमी की जरूरतो को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है। पूरे प्रदेश में अस्पताल की अव्यवस्थाओ का आलम ये है कि सतना में एक नवजात शिशु के शव  को अस्पताल के अंदर से कुत्ता उठा कर ले गया, कुछ दिन पूर्व कटनी अस्पताल में डॉक्टर्स की मीटिंग चलती रही थी और बाहर सड़क पर खुले में एक प्रसूता ने नवजात को जन्म दिया। अभी कुछ दिन पूर्व दमोह में कलेक्टर की माँ ऐसी ही अव्यवस्था का शिकार बनी। आज भोपाल में अस्पताल से लाश ही चोरी हो गई, कुछ दिन पूर्व शिवराज की खुद की विधान सभा बुधनी में उपचार न मिलने से तंग होकर माँ ने बच्चे के साथ आत्म हत्या कर ली थी।   श्री अग्रवाल ने शिवराज सरकार की कार्यशैली पर ही बड़ा सवाल खड़ा करते हुए कहा कि जब शहरी इलाकों में, खुद उनके विधानसभा क्षेत्र में और ऊँचे ओहदे के लोगों के साथ ऐसी दुर्घटनाएं हो रही हैं तो सोचने वाली बात है कि सुदूर ग्रामीण इलाको तक फैले इस मध्यप्रदेश में और कितनी भयावह स्थिति होगी। ये सरकार इतना कुछ हो जाने के बाद भी सो रही है, कुछ विशेष कदम उठाने के बजाय अनावश्यक कार्यों में उलझी हुई है। प्रदेश की आम जनता स्वास्थ्य, शिक्षा जैसी उनकी बुनियादी जरूरतों पर शिवराज सरकार की उदासीनता को देख रही है इसका जवाब 2018 में जरूर देगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat  5 August 2016

प्रदेश की 234 तहसील में  मॉडर्न रिकार्ड-रूम

वर्तमान में मध्यप्रदेश के 36 जिले के 234 तहसील के रिकार्ड-रूम का आधुनिकीकरण हो गया है। शेष जिलों में भी यह कार्य शीघ्र पूरा हो जायेगा। यह जानकारी आज नेशनल लेंड रिकार्ड माडर्नाइजेशन प्रोग्राम की मध्य एवं पूर्वी क्षेत्र की समीक्षा बैठक में दी गई।बैठक में भारत सरकार की सचिव वंदना कुमारी जैना ने मध्यप्रदेश में भू-अभिलेख के क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि रिकार्ड दुरुस्त होगा तो किसानों को भटकना नहीं पड़ेगा, कार्य शीघ्रता से निपटेंगे और आपसी विवाद नहीं होंगे। उन्होंने समस्त जानकारी वेबसाइट में डालने के निर्देश दिये। यह वेबसाइट http://www.landrecords.mp.gov.in/ है। कम्प्यूटराइज कॉपी आवेदक द्वारा माँगे जाने पर दी जायेगी।श्रीमती जैना ने कहा कि प्रदेश के सभी जिला और तहसील के भू-अभिलेखों को दुरुस्त रखें। इससे किसानों को खसरा, खतौनी, भू-अधिकार, ऋण-पुस्तिका, किश्तबंदी आदि की नकल आसानी से प्राप्त हो सकेगी। साथ ही रिकार्ड में पारदर्शिता आयेगी। मध्यप्रदेश के आयुक्त भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त श्री राजीव रंजन ने वर्ष 2014-15 की वार्षिक कार्य-योजना और उपलब्धि संबंधी प्रेजेन्टेशन दिया।श्रीमती जैना ने देश के मध्य एवं पूर्वी क्षेत्र पश्चिमी बंगाल, छत्तीसगढ़, बिहार, उड़ीसा, नागालेंड एवं सिक्किम के अधिकारियों से भू-अभिलेख के क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों की जानकारी प्राप्त की। बैठक में आर्थिक सलाहकार श्री सुरेन्द्र सिंह और प्रदेश के प्रमुख सचिव राजस्व श्री अरुण तिवारी मौजूद थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

साँची बौद्ध विश्वविद्यालय में होगी पाँच फेकल्टी

लगभग 100 एकड़ में बनेगा विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश के रायसेन जिले के साँची में राज्य शासन द्वारा स्थापित किये जा रहे साँची बौद्ध एवं भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय में मुख्य रूप से पाँच फेकल्टी होंगी। विश्वविद्यालय में बौद्ध-दर्शन, सनातन-धर्म और भारतीय ज्ञान-अध्ययन, अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध-अध्ययन, तुलनात्मक धर्मों और भाषा, साहित्य एवं कला फेकल्टी होंगी। विश्वविद्यालय भवन एवं परिसर के लिये साँची में लगभग 100 एकड़ भूमि आरक्षित की गई है। भवन के निर्माण पर 200 करोड़ रुपये व्यय किये जायेंगे।संस्कृति मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने बताया है कि अपने तरह के पहले एवं अनूठे साँची बौद्ध एवं भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय का भूमि-पूजन साँची में 21 सितम्बर को प्रातः 11.30 बजे होगा। भूमि-पूजन समारोह श्रीलंका के राष्ट्रपति श्री म्हिन्दा राजपक्षे, भूटान के प्रधानमंत्री श्री जिग्मे वाय. थिनले, राज्यपाल श्री रामनरेश यादव, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, सांसद एवं नेता प्रतिपक्ष लोकसभा श्रीमती सुषमा स्वराज, श्री प्रकाश अम्बेडकर, स्वामी दयानंद सरस्वती और श्री वेन. बानगल उपतिस्स नायक थेरो की गरिमामय उपस्थिति में सम्पन्न होगा।विश्वविद्यालय में भारत तथा विदेशों में अन्य भारतीय पद्धतियों के साथ-साथ बौद्ध धर्म के समस्त पहलुओं का अध्यापन एवं शोध किया जाएगा। यहाँ पर बुद्धिज्म शिक्षा, सम-सामयिक दर्शन एवं परम्पराओं में शिक्षा दी जाएगी। विश्वविद्यालय धर्म, दर्शन तथा संस्कृति जैसे क्षेत्रों में ज्ञान के सशक्त ऐतिहासिक समानताओं से जुड़े एशिया के देशों के बीच पारस्परिक संव्यवहार बढ़ायेगा। एशिया की संस्कृति और सभ्यता को साथ लाकर विश्व-शांति और सौहार्द बढ़ाने, शिक्षा की वैकल्पिक पद्धतियों का उपयोग कर शिक्षा प्रणाली में सुधार लाने में योगदान देने के साथ ही विश्वविद्यालय में एशिया को सुसंगत कला, शिल्प और कौशल में शिक्षण और प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा। विश्वविद्यालय के उद्देश्यों को पूर्ण करने के लिए एशिया तथा विश्व के विद्वानों और अन्य इच्छुक व्यक्तियों के बीच भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी।शिलान्यास समारोह के अगले दिन 22 सितम्बर को विधानसभा भवन, भोपाल में दो दिवसीय धर्म-धम्म सम्मेलन का शुभारंभ होगा। सम्मेलन के प्रथम दिन के मुख्य वक्ता प्रो. आनंद गुरुगे हैं। श्री गुरुगे यू.एस.ए. में प्रोफेसर हैं। दूसरे दिन यू.एस.ए., न्यू मेक्सिको, सान्ता फे के वेदाचार्य डॉ. डेविड फ्रॉले (वामदेव शास्त्री) मुख्य वक्ता होंगे। इनके अतिरिक्त लोक सभा सांसद एवं विचारक डॉ. मुरली मनोहर जोशी, श्री अरुण शौरी, श्री लोकेश चन्द्रा, श्री प्रकाश अम्बेडकर, श्री रामा जोईस, श्री एस.एल. भ्यरप्पा, श्री मकरंद परांजपे, श्री एम.बी. अथ्रेय, श्री जेशे सैमटेन, श्री तुल्कू तसोरी रिनपोचे, लाला लोबजैंग, श्री जेशे लखदोर, स्वामी परमात्मानंद, यू.के. से श्री जी.एम. बैमफोर्ड, थाईलैण्ड से भिवकुनी धम्मानंद, श्रीलंका से श्री बानगला थेरो, श्री असंगा तिलकरत्ने, कम्बोडिया से श्री सन सौबर्ट, फ्रांस से श्री कमलेश्वर भट्टाचार्या, जापान से श्री यासूओ कमाटा, भूटान से श्री हरका बी. गुरुंग, नेपाल से श्री त्रि रत्ना मनान्धर, नार्वे से श्री इगिल लोथे, कोरिया से श्री जियो ल्योग ली, वियतनाम से श्री थिच टैम ड्यूक, नीदरलैण्ड से सुश्री एलिजाबेथ डेन बोएर, ताइवान से श्री शिह लिएन हई और चीन से श्री जियानसीन ली की भी भागीदारी रहेगी।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

शिवराज बोले आम आदमी हूँ आमजन के बीच रहूँगा

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं आम आदमी हूँ और आम जनता के बीच ही रहूँगा।आम आदमी से बड़े राजनेता बने मुख्यमंत्री चौहान ने अपनी धर्मपत्नी साधना सिंह सहित परिजन के साथ गृह ग्राम जैत के तीन दिवसीय प्रवास के अंतिम दिन आज जन समस्या निवारण शिविर में सीहोर, रायसेन और होशंगाबाद जिले के लोगों से भेंट कर उनकी समस्याओं को सुना। शिविर में लोगों से कहा कि मैं आप लोगों से मिलने यहाँ आया हूँ।धन्यवाद देने भी आएशिविर में ऐसे लोग भी मुख्यमंत्री से मिलने पहुँचे जिनके काम मुख्यमंत्री के निर्देश पर हो चुके थे। उन्होंने मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। ग्राम डोबी की बालिका आरती के परिजन ने आरती की किडनी के आपरेशन में मदद के लिये मुख्यमंत्री का आभार माना।मेरे रहते कोई अनाथ नहींग्राम मछवाई के अनाथ बच्चे दीपेश और सोनू जब मुख्यमंत्री चौहान से मिले तो उन्होंने कहा कि मेरे रहते कोई अनाथ नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि बच्चों के पालन-पोषण की जिम्मेदारी सरकार वहन करेगी।शिविर के दौरान निःशक्तजन के इलाज और निःशक्तता प्रमाण-पत्र बनाने की व्यवस्था की गई थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि शीघ्र ही बुधनी में एक रोजगार मेले का आयोजन किया जायेगा। मेले में ज्यादा से ज्यादा बेरोजगारों को रोजगार के अवसर मुहैया करवाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि स्वयं का रोजगार करने वालों को पूरी मदद दी जायेगी।अधिकारियों की बैठकमुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि बरखेड़ा-शाहगंज मार्ग तत्काल दुरूस्त करने की ताकीद की। इसी तरह शाहगंज-बकतरा क्षेत्र में आने वाले कुसुमखेड़ा-नोंनभेंट मार्ग को शीघ्रता से पूरा करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि टेंल एण्ड तक के किसानों को पानी मुहैया होना चाहिए।इस मौके पर सीहोर जिला प्रभारी मंत्री श्री विजय शाह, अध्यक्ष राज्य भंडार गृह निगम श्री राजेन्द्र सिंह राजपूत, अध्यक्ष हाउसिंग बोर्ड श्री रामपाल सिंह, अध्यक्ष मार्क फेड श्री रमाकान्त भार्गव, अध्यक्ष एम.पी.एग्रो रामकिशन चौहान, अध्यक्ष गौ-संवर्धन बोर्ड शिव चौबे, भाजपा जिला अध्यक्ष रद्युनाथसिंह भाटी, विधायक विजय पाल सिंह तथा वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

MadhyaBharat

 MadhyaBharat 

Video
Advertisement
x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.