Since: 23-09-2009

  Latest News :
जेपी नड्डा ने देशव्यापी अभियान \'एक पेड़ मां के नाम\' के अंतर्गत लगाया पौधा.   सिक्किम के लापता पूर्व मंत्री रामचंद्र पौड्याल का शव बांग्लादेश में मिला.   ओमान में बंदरगाह पर तेल टैंकर पलटा.   केजरीवाल पर हाई कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला.   डोडा में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच हुई गोलीबारी.   अजीत पवार गुट के 4 नेता और 24 पदाधिकारी शरद पवार के साथ आए.   मंत्री राधा सिंह पर आरोप.   मुख्यमंत्री से नहीं संभल रहे 2 पद.   महिला ने दवा के धाेखे में खाया सल्फास ईलाज के दाैरान माैत.   जीतू पर आराेप लगाने वाले कांग्रेस नेता अब भी अपनी बात पर कायम.   मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने घायल बाघ शावकों की जीवन रक्षा के प्रयास की सराहना की.   खदान में डूबने से दो नाबालिग बच्चों की मौत.   उप मुख्यमंत्री अरुण साव छत्तीसगढ़ सराफा एसोशिएशन के शपथ ग्रहण समारोह में हुए शामिल.   रेलवे ट्रैक में एक अज्ञात महिला का शव टुकड़ों में पड़ा मिला.   कांग्रेस तथ्य और वस्तु स्थिति जाने बिना भ्रम फैलाने का काम करती है : साव.   ट्रक व बस में भीषण भिड़ंत.   मुख्यमंत्री साय विशेष विमान से दिल्ली रवाना.   बीमारी से परेशान प्रधान अध्यापक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.  
एक साथ कॉम्बिंग पर निकले 15 हजार से अधिक पुलिसकर्मी
bhopal,  15 thousand policemen ,combing together

भोपाल। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव के निर्देशानुसार अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए मप्र पुलिस लगातार अपराधियों की धरपकड़ कर रही है। इसी अनुक्रम में शनिवार-रविवार की दरमियानी रात प्रदेश भर की पुलिस एक साथ, एक ही समय पर नाइट कॉम्बिंग ऑपरेशन पर निकली। डीजीपी सुधीर सक्सेना के मार्गदर्शन में हुए इस नाइट कॉम्बिंग ऑपरेशन में सभी जिलों में आईजी, डीआईजी, एसपी, एसडीओपी, थाना प्रभारी तथा भोपाल और इंदौर पुलिस कमिश्नरेट के सभी अधिकारी/कर्मचारी शामिल रहे।

 

इस ऑपरेशन में प्रदेश के 15 हजार से अधिक पुलिसकर्मियों ने हिस्सा लिया, जिसमें 370 डीएसपी व उच्च स्तर के अधिकारी भी सम्मिलित रहे। डीजीपी स्वयं रात भर सड़कों पर रहे तथा उन्होंने रात एक बजे बीएनपी देवास, ढाई बजे कोतवाली सीहोर और चार बजे कोहेफिजा थाना पहुंचकर नाइट कॉम्बिंग ऑपरेशन का जायजा लिया। साथ ही रात्रि में ही जोनल आईजी से बात कर उनके जिलों में नाइट कॉम्बिंग ऑपरेशन की जानकारी ली।

 

जनता की सुरक्षा, प्रदेश में शांति एवं कानून व्यवस्था की सुदृढ़ता बरकरार रखने और अपराधियों में भय उत्पन्न करने के उद्देश्य से यह कॉम्बिंग गश्त की गई। कॉम्बिंग गश्त में फरार अपराधियों की धरपकड़, सभी स्थायी और गिरफ्तारी वारंटों की तामीली और जिला बदर अपराधियों की चैकिंग सुनिश्चित की गई।

 

रात भर चली गश्त में पकड़ाए अपराधी व वारंटी

कॉम्बिंग गश्त के लिए सभी जिला मुख्यालयों पर अधिक से अधिक पुलिस बल को एकत्रित कर विस्तार से ब्रीफिंग की गई तथा कार्यवाही की जानकारी देकर अलग-अलग टीम बनाकर कॉम्बिंग गश्त के लिए रवाना किया गया। पूरी रात चली इस गश्त के दौरान लगभग आठ हजार अपराधी व वारंटी पकड़े गए। इस प्रदेशव्यापी कॉम्बिंग गश्त के दौरान गिरफ्तारी वारंट के लगभग पांच हजार से अधिक अपराधियों, लगभग 2500 स्थायी वारंटियों, लगभग 75 फरार अपराधियों तथा 1800 से ज्यादा जिलाबदर अपराधियों की चैकिंग की गयी, कुछ जिला बदर के अपराधी जिला बदर की शर्तों का उल्लंघन करते हुए पाये गये, जिनके विरूद्ध पृथक से कार्यवाही की जा रही है।

125 से अधिक इनामी बदमाशों को किया गिरफ्तार

विभिन्न अपराधों में वांछित 125 से अधिक ऐसे बदमाशों को गिरफ्तार किया गया, जिन पर इनाम घोषित था। साथ ही 650 से अधिक अन्य वांछित अपराधियों को कॉम्बिंग अभियान में पकड़ने में सफलता प्राप्त हुई है।

 

नाइट कॉम्बिंग ऑपरेशन में रखी गई पूर्ण सतर्कता

प्रदेशव्यापी नाइट कॉम्बिंग ऑपरेशन में पुलिस को कानूनी प्रक्रिया का पूर्ण रूप से पालन करने हेतु निर्देशित किया गया था तथा इस बात का विशेष ध्यान रखने हेतु भी निर्देशित किया गया था कि किसी के भी साथ अभद्रता न हो। महिलाओं एवं बच्चों के साथ व्यवहार में पूरी शालीनता रखने हेतु भी निर्देशित किया गया था।

मुख्यमंत्री ने पुलिस को निरंतर निरीक्षण करने के दिए थे निर्देश

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव 31 मई 2024 को पुलिस मुख्यालय पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को रात्रि गश्त सहित निरंतर निरीक्षण करने के निर्देश दिए थे।

MadhyaBharat 16 June 2024

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.