Since: 23-09-2009

  Latest News :
क्रेडिट कार्ड से रेंट भरने पर लगेगा एक्स्ट्रा चार्ज .   कनाडा में हिंदू मंदिर की दीवारों पर भारत विरोधी नारे .   बाइडेन ने दिया मोदी को न्यौता .   7 लाख से कम आये वालों को नहीं देना पड़ेगा कोई टैक्स .   बजट में कुछ सामान हुए सस्ते कुछ महंगा.   पुणे में लग्जरी बस और ट्रक के बीच टक्कर 4 की मौत.   उमा भारती का बड़ा बयान नड्डा जी ने नहीं रोका होता तो खुल जाता शिव मंदिर का ताला.   ट्रक ने आयसर को मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत.   मुझे गर्व है प्रदेश के पुलिस प्रशासन पर: शिवराज.   इंदौर में प्रोफेसर सस्पेंड .   मंदिर का ताला नहीं तोड़ने दे रहे है बीजेपी अध्यक्ष .   कमलनाथ झूठे है,जनता से झूठा वादा करते है -शिवराज .   केंद्रीय बजट से छत्तीसगढ़ के मिलेट मिशन को मिलेगा बढ़ावा: अरुण साव.   बजट में महंगाई और बेरोजगारी को कम करने की कोई व्यवस्था नहीं-मुख्यमंत्री बघेल.   देश बिक रहा है,ट्रेने रद्द हो रही है ये है मोदी सरकार की हालत .   पति ने कई सालों से संबंध नहीं बनाये तो पत्नी ने लगाई फांसी .   बीजेपी किसी को निमंत्रण नहीं देती जो आना चाहे आ सकता है-रमन सिंह .   अब बदलेगी ट्रैफिक पुलिस की जैकेट .  
विद्युत मंत्रालय ने बिजली संकट से जूझ रहे राज्यों की करेगा सहायता
विद्युत मंत्रालय ने बिजली संकट से जूझ रहे राज्यों की करेगा सहायता

सहायताके लिए साढ़े चार हजार मेगावाट बिजली खरीद योजना शुरू की

ऊर्जा मंत्रालय ने शक्ति नीति के अंतर्गत पांच वर्षों में 45 सौ मेगावाट बिजली की खरीद की योजना शुरू की है। मंत्रालय ने कहा है कि इस योजना से उन राज्यों को लाभ होगा, जिन्हें बिजली की कमी का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही, बिजली घरों की क्षमता में वृद्धि करने में भी मदद मिलेगी। बिजली वित्त निगम कंसल्टिंग लिमिटेड को इसके लिए नोडल एजेंसी नियुक्त किया गया है। उसकी ओर से चार हजार पांच सौ मेगावाट बिजली की आपूर्ति के लिए बोलियां आमंत्रित की गई हैं। यह आपूर्ति अगले वर्ष अप्रैल से शुरू होगी। गुजरात ऊर्जा विकास निगम, महाराष्ट्र राज्य बिजली वितरण कंपनी लिमिटेड, मध्य प्रदेश ऊर्जा प्रबंधन कंपनी लिमिटेड, नई दिल्ली नगर निगम और तमिलनाडु उत्पादन और वितरण निगम लिमिटेड ने इस योजना में रूचि प्रदर्शित की है। इस योजना के तहत बोलियों की अंतिम तिथि 21 दिसंबर है। पहली बार शक्ति योजना के अंतर्गत इस तरह बोलियां मांगी गई हैं। भारत में कोयला उत्‍पादन के विकास और आवंटन में पारदर्शिता  की योजना शक्ति 2018 में शुरू की गई थी। इसका उद्देश्य कोयले की कम आपूर्ति के कारण संकटग्रस्‍त बिजली इकाइयों को कोयला उपलब्ध कराना है।                

 

MadhyaBharat 29 November 2022

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2023 MadhyaBharat News.