Since: 23-09-2009

  Latest News :
विवादित प्रशिक्षु आईएएस पूजा खेडकर की मां मनोरमा खेडकर गिरफ्तार.   पश्चिम बंगाल में मुहर्रम पर लहराया गया फिलिस्तीन का झंडा.   केरन सेक्टर की नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ नाकाम मार गिराए गए दो आतंकवादी.   सीबीआई ने नीट-यूजी पेपर लीक केस में एम्स के तीन मेडिकल छात्रों को हिरासत में लिया.   जेपी नड्डा ने देशव्यापी अभियान \'एक पेड़ मां के नाम\' के अंतर्गत लगाया पौधा.   सिक्किम के लापता पूर्व मंत्री रामचंद्र पौड्याल का शव बांग्लादेश में मिला.   सिंगराैली हत्याकांड मामले ने पकड़ा तूल.   एक बार फिर अपने ट्वीट से सुर्खियों में IAS नियाज खान.   भोपाल में तेज बारिश से सड़कें बनी तालाब.   अधारताल इंडस्ट्रियल एरिया में कबाड़ गोदाम में विस्फोट.   मंत्री राधा सिंह पर आरोप.   मुख्यमंत्री से नहीं संभल रहे 2 पद.   आईईडी ब्लाॅस्ट में दाे जवानों के बलिदान हाेने पर सीएम साय ने जताया दुख.   डायरिया से किशोर व दो बुजुर्ग सहित तीन की मौत मचा हड़कंप.   तेज रफ्तार कार फ्लाईओवर से 30 फीट नीचे गिरी.   सर्प दंश से आदिवासी समाज के सगे भाई-बहन की मौत.   बिलासपुर में मिला कोरोना पॉजिटिव मरीज.   छत्तीसगढ़ में नक्सल प्रभावित बीजापुर में आईईडी ब्लास्ट दो जवान शहीद.  
केजरीवाल को फिलहाल सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं
new delhi,Kejriwal currently, Supreme Court

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली आबकारी घोटाला मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को फिलहाल कोई राहत नहीं दी है। जस्टिस मनोज मिश्रा की अध्यक्षता वाली वेकेशन बेंच ने ट्रायल कोर्ट से मिली जमानत पर अंतरिम रोक को चुनौती देने वाली याचिका पर अगली सुनवाई 26 जून को करने का आदेश दिया। कोर्ट ने कहा कि इस बीच अगर दिल्ली हाई कोर्ट अपना आदेश पारित करती है तो उसे सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया जाए।

 

सुनवाई के दौरान केजरीवाल की ओर से वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि हाई कोर्ट से जमानत पर रोक अभूतपूर्व है, ऐसा आज तक नहीं हुआ है। सिंघवी ने अपनी दलील देते हुए कहा कि अगर हाई कोर्ट से उनकी जमानत रद्द हो जाती तो वह निश्चित रूप से जेल वापस जाएंगे। जैसा कि सुप्रीम कोर्ट की अंतरिम जमानत के बाद हुआ था। वैसे भी उनके भागने का कोई खतरा नहीं है।

सिंघवी ने कहा कि मान लीजिए कि हाई कोर्ट ने ईडी की याचिका खारिज कर दी तो उस स्थिति में बिना कारण जेल में बिताए दिनों की भरपाई कैसे की जा सकेगी। तब जस्टिस मनोज मिश्रा ने कहा कि एक-दो दिन में हाई कोर्ट के इस मामले पर आदेश जारी करने की संभावना है। इस पर सिंघवी ने कहा कि ट्रायल कोर्ट से केजरीवाल के पक्ष में फैसला आने के बाद उन्हें अंतरिम तौर पर क्यों नहीं रिहा किया जा सकता है ? तब जस्टिस मिश्रा ने कहा कि अगर हम अभी कोई आदेश पारित करते हैं तो हम मामले पर हाई कोर्ट से पहले ही फैसला सुना देंगे।

सिंघवी ने कहा कि हाई कोर्ट ने इस मामले पर सुबह साढ़े दस बजे ही बिना कारण बताए ही स्थगन आदेश पारित कर दिया। हमने हाई कोर्ट में उन 10 फैसलों को रखा है, जिसमें कहा गया है कि एक बार जमानत दिए जाने के बाद उसे विशेष कारणों के बिना रोका नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि अगर हाई कोर्ट जमानत का आदेश देखे बिना स्टे का आदेश दे सकता है तो सुप्रीम कोर्ट क्यों नहीं कर सकता, सुप्रीम कोर्ट भी कर सकता है। तब जस्टिस मनोज मिश्रा ने कहा कि अगर हाई कोर्ट ने कुछ गलत किया है तो क्या हम भी गलत करेंगे।

राऊज एवेन्यू कोर्ट ने 20 जून को अरविंद केजरीवाल को नियमित जमानत दी थी। केजरीवाल की जमानत का जब फैसला सुनाया जा रहा था तो ईडी की ओर से पेश वकील जोहेब हुसैन ने राऊज एवेन्यू कोर्ट से बेल बांड भरने के लिए 48 घंटे का वक्त देने की मांग की थी, ताकि वे इस आदेश को दिल्ली हाई कोर्ट में चुनौती दे सकें, लेकिन राऊज एवेन्यू कोर्ट ने इस मांग को खारिज कर दिया था। इस पर ईडी ने ट्रायल कोर्ट से मिली जमानत के आदेश को दिल्ली हाई कोर्ट में 21 जून को चुनौती दी थी। हाई कोर्ट ने ईडी की याचिका पर दोनों पक्षों की दलीलें सुनने से पहले ही फैसला आने तक ट्रायल कोर्ट के जमानत आदेश पर अंतरिम रोक लगा दी थी।

MadhyaBharat 24 June 2024

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.