Since: 23-09-2009

  Latest News :
मणिपुर में 3.5 तीव्रता का भूकंप.   दार्जिलिंग में लिकुवीर के पास एनएच-10 बंद.   जम्मू-कश्मीर से आतंकवाद के सफाये के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी सरकार: केन्द्रीय गृह मंत्री शाह .   बाबा के जयकारों से गूंज उठा कैंची धाम.   नार्काे-आतंकवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़.   गाजियाबाद के लोनी स्थित पॉलिथीन बनाने की फैक्टरी में भीषण आग.   पिता परिवार की नींव, हमारी बुनियाद हैं .   जल गंगा संवर्धन अभियान को मिला अपार जनसहयोग : मुख्यमंत्री डॉ यादव.   दाऊदी बोहरा समाज ने मनाया ईद का पर्व, मस्जिदों में हुई विशेष नमाज.   एक साथ कॉम्बिंग पर निकले 15 हजार से अधिक पुलिसकर्मी.   कांग्रेस आउट सोर्स प्रकोष्ट का सरकार के खिलाफ हल्लाबोल आंदोलन.   ऐतिहासिक भोजशाला में 85वें दिन भी जारी रहा एएसआई का सर्वे.   भीम रेजीमेंट के रायपुर संभाग का अध्यक्ष जीवराखन बांधे गिरफ्तार.   कांग्रेस व भाजपा ने सतनामियों को सिर्फ प्रताड़ित किया : अमित जोगी.   संघर्ष के दिनों की यादें साथ लेकर मुख्यमंत्री से मिलने आए जशपुर के अनेर सिंह.   नक्सल मुठभेड़ में घायल जवान ने कहा ठीक होते ही और मारूंगा.   मुख्यमंत्री साय ने तीसरे दिन भी ली विभिन्न विभागों की समीक्षा बैठक.   बलौदाबाजार हिंसा पर जस्टिस गौतम भादुड़ी ने लिया स्वतः संज्ञान.  
जन अपेक्षाओं के विपरीत झूठे सपने और खोखले दावों का घोर निराशाजनक बजट
raipur,  public expectations, empty claims

रायपुर। छत्तीसगढ़ बजट 2024 पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि साय सरकार का पहला बजट आम जनता के अपेक्षा और उम्मीदों के विपरीत घोर निराशाजनक रहा है। ना इसमें युवाओं के रोजगार के संदर्भ में कोई रोड मैप दिख रहा है, ना ही महंगाई से निपटने कोई ठोस रणनीति है। एक लाख़ युवाओं को सरकारी नौकरी देने का वादा था, लेकिन बजट में नई नौकरियों के लिए कोई प्रावधान नहीं हैं, उल्टे बेरोजगारी भत्ता की राशि खा गए। कॉलेज जाने वाले छात्रों से वादा था यात्रा भत्ता देने का जिसके लिए कोई बजट प्रावधान नहीं है। 500 रुपये में गैस सिलेंडर देने का वादा करने वाली भाजपा गैस सब्सिडी के लिए एक रुपये का भी बजट प्रावधान नहीं कर पाए हैं।

दीपक बैज ने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के द्वारा प्रस्तुत पिछले बजट में छत्तीसगढ़ में चार-चार नए मेडिकल कॉलेज खोलने की व्यवस्था दी गई थी। इस बजट में एक भी नया मेडिकल कॉलेज या इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने का प्रावधान नहीं है। 25 लाख तक विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना संचालित थी, हमर अस्पताल, हमार लैब, हाट बाजार क्लिनिक, मोहल्ला क्लीनिक, स्लम स्वास्थ्य चिकित्सा योजना संचालित थी। पिछले बजट में 19488 करोड़ का प्रावधान शिक्षा के लिए रखा गया था जो कुल बजट का 19.4 प्रतिशत था इस बजट में यह राशि घटाकर 15.95 प्रतिशत कर दिया गया है। जो लक्ष्य या जीडीपी दोगुना करने का बताया जा रहा है। पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार ने करके दिखाया है।

राज्य की जीएसडीपी 2017-18 में मात्र दो लाख़ 70 हजार करोड़ थी जो बढ़कर पूर्ववर्ती कांग्रेस के शासनकाल में ही पांच लाख नौ हजार करोड़ तक हो गया, अर्थात कांग्रेस के पांच साल में राज्य का जीडीपी दुगुना हुआ था। विगत 3 वर्षों से प्रदेश सरकार ने कोई नया कर्ज नहीं लिया था, भाजपा की सरकार आते ही पिछले दो महीने में चार बार नया कर्ज लिया गया, 5000 करोड़ से अधिक का नया कर्ज अब तक विष्णु देव साय सरकार ले चुकी है। 2022-23 में राजस्व आधिक्य 2661 करोड़, 2023-24 में 3500 करोड़, इस बार राजस्व आधिक्य घटकर मात्र 1060 करोड़। कुल मिलाकर विष्णुदेव साय सरकार के पहले बजट ने छत्तीसगढ़ की जनता को निराश किया है।

MadhyaBharat 9 February 2024

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.