Since: 23-09-2009

  Latest News :
विकसित भारत के लिए विकसित तमिलनाडु का दृष्टिकोण भाजपा का संकल्पः मोदी.   इस साल भारत में \'सामान्य से अधिक\' मानसून रहने की संभावना.   समाजवादी पार्टी का मुसलमानों से कोई सरोकार नहीं : मायावती.   80 बनेगा आधार, एनडीए करेगा 400 पार : योगी आदित्यनाथ.   केजरीवाल की गिरफ्तारी को चुनौती वाली याचिका पर ईडी को ‘सुप्रीम’ नोटिस.   बाबा साहब के सपनों को साकार करने वाली सरकार चुनें : मायावती.   मैडम सोनिया- राहुल गांधी ने मैदान छोड़ दिया : शिवराज.   खजुराहो में इंडिया गठबंधन ने फारवर्ड ब्लाक के प्रत्याशी आरबी प्रजापति को दिया समर्थन.   इस बार का चुनाव रामद्रोहियों और राम के पक्षधरों का चुनाव है: मुख्यमंत्री डॉ. यादव.   जीतू ने कसा तंज भाजपा ने चंदे को धंधा बनाया.   भाजपा प्रत्याशी की शिकायत पर कमलनाथ के पीए पर केस दर्ज.   प्रदेश में सबसे ज्यादा अपराध आदिवासी वर्ग पर हो रहे हैं: जीतू पटवारी.   छत्तीसगढ़ के शराब घोटाले मामले में ईडी फिर एक्शन की तैयारी में.   मवेशियों का सड़क में डेरा बढ़ी दुर्घटना की आशंका.   राज्यपाल हरिचंदन उड़िया नव वर्ष उत्सव में शामिल हुए.   एक लाख के इनामी नक्सली के साथ सात नक्सली गिरफ्तार.   सड़क दुर्घटना में दो सगे भाइयों समेत तीन युवकों की मौत.   मैनपाट में घर में लगी आग की चपेट में आकर तीन बच्चे जिंदा जले.  
मप्र में बेमौसम बारिश का सिलसिला जारी
bhopal, Unseasonal rain , Madhya Pradesh

भोपाल। मध्य प्रदेश में बीते चार दिनों से मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ है। अलग-अलग स्थानों पर बनी मौसम प्रणालियों के असर से प्रदेश में रुक-रुककर हल्की बारिश और कहीं-कहीं ओलावृष्टि हो रही है। रविवार को भी दतिया जिले में तेज आंधी के साथ बारिश हुई और इसके साथ 10 मिनट तक ओले भी गिरे। वहीं, गुना भी बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। इससे फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। ओलावृष्टि के बाद गुना में किसानों ने चक्काजाम कर दिया।

 

दरअसल, प्रदेश में बीते चार दिनों से अलग-अलग हिस्सों में तेज आंधी-तूफान के साथ बारिश और ओलावृष्टि हो रही है। रविवार को भी सुबह से ही राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में बादल छाए हुए हैं। इसके साथ ही दतिया और गुना में तेज हवा के साथ बारिश और ओलावृष्टि हुई है। इधर, मौसम विभाग का कहना है कि रविवार शाम तक प्रदेश में बारिश और आंधी का दौर थम जाएगा, लेकिन पांच मार्च को नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है, जिसकी वजह से प्रदेश के कई जिलों में फिर बारिश हो सकती है। हालांकि, रविवार को उत्तर प्रदेश से लगे ग्वालियर, चंबल, रीवा, सागर और शहडोल संभाग के जिलों में कहीं-कहीं वर्षा हो सकती है।

 

भोपाल के वरिष्ठ मौसम विशेष अजय शुक्ला ने बताया कि देश के अलग-अलग हिस्सों में बनी मौसम प्रणालियों के कारण वर्तमान में हवाओं का रुख दक्षिणी बनी हुआ है। हवाओं के साथ अरब सागर एवं बंगाल की खाड़ी से नमी आने के कारण प्रदेश के अधिकतर जिलों में बादल बने हुए हैं। साथ ही गरज-चमक के साथ कहीं-कहीं हल्की वर्षा भी हो रही है। बादल बने रहने के कारण दिन के तापमान में गिरावट भी बनी हुई है, लेकिन रात का तापमान बढ़ रहा है। अब मौसम प्रणालियों के कमजोर पड़कर आगे बढ़ने की संभावना है। इस वजह से मौसम धीरे-धीरे साफ होने लगेगा। सागर संभाग के जिलों में एवं सिंगरौली, सीधी, रीवा, मऊगंज, मुरैना, ग्वालियर, भिंड, श्योपुर और दतिया जिले में हल्की वर्षा हो सकती है।

 

इधर, बारिश और ओलों से फसलों की हालत देखते हुए मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने संबंधित जिला कलेक्टरों को तत्काल सर्वे के निर्देश दिए हैं। वहीं, केंद्रीय नागरिग उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि पर चिंता जताई है। उन्होंने सोशल मीडिया एक्स के माध्यम से कहा है कि गुना, अशोकनगर और शिवपुरी ज़िलों के ग्रामीण क्षेत्रों मे ओलावृष्टि की सूचना मिली है। विपत्ति की घड़ी मे मेरे तीनों ज़िलों के परिवारजनों के साथ खड़ा हूं। इस संबंध में मैंने प्रशासन को आवश्यक निर्देश दिए हैं कि क्षतिग्रस्त फसलों का जल्द सर्वे कर प्रभावित किसानों को राहत प्रदान की जाये।

 

 

 

MadhyaBharat 3 March 2024

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.