Since: 23-09-2009

  Latest News :
कांग्रेस की सरकार घोटालों की सरकार: जेपी नड्डा.   यह चुनाव संविधान और आरक्षण बचाने की लड़ाई है : मल्लिकार्जुन खड़गे.   इंडी गठबंधन वालों को भारत का गौरव हजम नहीं होता : नरेन्द्र मोदी.   पुणे हिट एंड रन मामले में नाबालिग लड़के के पिता सहित तीन गिरफ्तार.   मनीष सिसोदिया की न्यायिक हिरासत 31 मई तक बढ़ी.   एटीएस ने अहमदाबाद हवाईअड्डे से 4 आतंकी पकड़े.   नौवीं की छात्रा से दुष्कर्म के मामले में तीन आरोपित गिरफ्तार.   मध्यप्रदेश भीषण गर्मी की चपेट में 25 मई तक लू का अलर्ट.   नशे की हालत और वर्दी के अहंकार में चूर टीआई ने फोड़े गाड़ियों के कांच.   भाजपा विधायक के पोते ने जहरीला पदार्थ खाकर की आत्महत्या.   ओवर ब्रिज से गिरी यात्री बस दो की मौत.   मालवा एक्सप्रेस में पेंट्रीकार के स्टाफ और यात्रियों के बीच विवाद में चले चाकू.   चरित्र शंका पर पत्नी और बेटी की हत्या.   वन विभाग ने बाघों को ट्रैक करने जंगलों में लगाया कैमरा.   बारहवीं में टॉप नहीं आने पर दुखी छात्रा ने की खुदकुशी.   19 लोगों के शवों का नम आंखों से हुआ अंतिम संस्कार.   हार्डकोर इनामी सहित दस नक्सलियों को सशस्त्र बलों ने किया गिरफ्तार.   कोयला लोड मालगाड़ी की कुछ बोगी पटरी से उतरी.  
मैनपाट में घर में लगी आग की चपेट में आकर तीन बच्चे जिंदा जले
raipur, Three children burnt , Mainpat

रायपुर /अंबिकापुर। सरगुजा जिले के पर्यटक क्षेत्र मैनपाट में शनिवार देर रात एक घर में लगी आग की चपेट में आकर तीन बच्चे जिंदा जल गए। बच्चों की मां उन्हें घर में छोड़ कर दरवाजा बाहर से बंद कर पड़ोस में गई थी। जब वह वापस लौटी तो कच्चे घर को आग से घिरा पाया। सुबह तीनों बच्चों के अवशेष मिले हैं। आगजनी का कारण स्पष्ट नहीं है। रविवार सुबह मौके पर तहसीलदार मैनपाट समेत स्थानीय जनप्रतिनिधि भी घटनास्थल पर पहुंचे हैं।

पुलिस की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार मैनपाट के ग्राम बरिमा, पकरीपारा में शनिवार रात करीब 12 से एक बजे के बीच देवप्रसाद माझी के कच्चे मकान में अचानक आग की लपटें उठने लगीं। देवप्रसाद के तीनों बच्चे सो रहे थे। बच्चों की मां सुधनी बाहर से दरवाजा बंद कर पड़ोस में गई थी। सुधनी के शोर मचाने पर आसपास के लोग बड़ी संख्या में मौके पर पहुंच कर आग बुझाने की कोशिश की पर वे असफल रहे। कच्ची लकड़ी और घास से बने मकान में धान का पैरा भी रखा था। आग ने शीघ्र ही पूरे घर को अपनी चपेट में ले लिया। इस भयावह अग्निकांड में घर में सो रहे तीनों बच्चे जिंदा जल गए। इनमें गुलाबी (8 वर्ष ), सुषमा (6वर्ष), रामप्रसाद (4वर्ष) शामिल हैं। बच्चों का पिता देवप्रसाद रोजगार की तलाश में पुणे गया हुआ है। सुबह तीनों बच्चों के जले हुए अवशेष घटनास्थल पर मिले हैं। बच्चों की मां सदमे में है और कुछ भी बोल पाने की हालत में नहीं है।

MadhyaBharat 14 April 2024

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.