Since: 23-09-2009

  Latest News :
कांग्रेस के पांच-छह विधायकों को किडनैप कर हरियाणा ले गई भाजपा : सुक्खू.   ईडी ने केजरीवाल को भेजा आठवां समन.   लोकसभा चुनाव के पहले ही हार मान चुका है विपक्ष : प्रधानमंत्री.   नेशनल कॉन्फ्रेंस इंडिया गठबंधन के साथ कांग्रेस से होगी सीट शेयरिंग : फारूक अब्दुल्ला.   राज्यसभा चुनाव : 15 में से 10 भाजपा उम्मीदवार जीते.   गायक पंकज उधास का निधन.   भाजपा का परिवार लगातार बढ़ रहा पार्टी देश में 370 से अधिक सीटें जीतेगी: मुख्यमंत्री डॉ. यादव.   भोपाल सहित 6 नगरीय निकायों में चलेंगी 552 ई-बसें.   मप्र: जीतू पटवारी का तंज बोले- पर्ची से निकले मुख्यमंत्री से नही संभल रहा प्रदेश.   ग्वालियर-चंबल अंचल में बुधवार को बूंदाबांदी की संभावना.   इंदौर रोड पर बस-डंपर से टकराई.   कूनो में सफल हुआ है चीतों का पुनर्स्थापन: केंद्रीय मंत्री.   दंतेवाड़ा के किंरदुल एनएमडीसी खदान में धंसी चट्टान चार मजदूरों की मौत.   मीसाबंदियों की सम्मान निधि फिर शुरू होगी- मुख्यमंत्री साय.   एक शैक्षणिक सत्र में दो बार होगी बोर्ड की परीक्षाएं, आदेश जारी.   सदन में उठा कवर्धा दोहरे हत्याकांड का मामला विपक्ष ने कहा कानून व्यवस्था गंभीर.   बड़े भाई ने छोटे भाई की गोली मार कर की हत्या.   नवविवाहिता की आग से जलकर मौत.  
गृहमंत्री ने जवानों को वीरता पदक-विशिष्ट सेवा पदक से किया सम्मानित
jagdalpur, Home Minister honored, Seva Medal

जगदलपुर। सीआरपीएफ के 84वां स्थापना दिवस समारोह में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए। केंद्रीय गृहमंत्री ने आतंकी और नक्सल घटनाओं में अदम्य साहस दिखाने वाले अधिकारियों और जवानों को वीरता पदक और विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित भी किया। कार्यक्रम में अमित शाह ने कई विकास कार्यों और भवनों का लोकार्पण किया, वहीं हल्बी समाचार बुलेटिन का भी शुभारंभ किया।

 

वीरता पदक और विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित जवानों में स्व. हवलदार दीप चंद्र वर्मा को उनके द्वारा प्रदर्शित अदम्य साहस और अपने प्राणों के सर्वोच्च बलिदान हेतु उन्हें मरणोपरांत वीरता के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है। शहीद दीपचंद्र वर्मा की धर्मपत्नी सरोज ने पदक ग्रहण किया। 18 फरवरी 2020 को छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के जंगल क्षेत्र में, नक्सलियों द्वारा घात लगाकर किए गये अंबुश के दौरान 208 कोबरा के सिपाही कनई मांझी को मरणोपरांत वीरता के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया। सिपाही कनई मांझी की धर्मपत्नी पापीया मांझी ने पदक ग्रहण किया। सिपाही रोहित कुमार ने दो कुख्यात माओवादियों को मार गिराया। इनके द्वारा प्रदर्शित कुशल सामरिक रणनीति एवं युद्ध कौशल हेतु इन्हें वीरता के पुलिस पदक से सम्मानित किया गया। बाद में 19 अप्रैल 2019 को एक भीषण सड़क दुर्घटना में उनकी असामयिक मृत्यु हो गई। स्वर्गीय सिपाही रोहित कुमार की धर्मपत्नी प्रिया ने पदक ग्रहण किया। श्रीनगर के छत्ताबल के घनी आबादी वाले क्षेत्र में नरेश कुमार ने लश्कर ए तैयबा के तीन दुर्दांत आतंकवादियों को मार गिराया। इन्हें वीरता के पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है।

हवलदार राम कुमार टोप्पो ने स्थानीय निकाय चुनाव दल पर हमले के उद्देश्य से आए लश्कर ए तैयबा के तीन आतंकवादियों को मार गिराया। इन्हें वीरता के पुलिस पदक से सम्मानित किया गया। जम्मू कश्मीर के अवंतीपोरा में हवलदार महेंद्र कुमार एवं सिपाही संदीप ने एक घर में छिपे दो दुर्दांत आतंकवादियों को मार गिराया गया। इन्हें वीरता के पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है। द्वितीय कमान अधिकारी मयंक तेवारी ने अपने टीम के साथ मिलकर एक पाकिस्तानी आतंकवादी को मार गिराया। इन्हें वीरता के पुलिस पदक से सम्मानित किया गया। आतंकवादियों के साथ भीषण मुठभेड़ में सिपाही अमित सिंह यादव एवं सिपाही जिबीके दलपत भाई ने जैश ए मोहम्मद के दो खूंखार आतंकवादियों को मार गिराया। इन्हें वीरता के पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है। सहायक कमाण्डेन्ट मास्टर विकास, हवलदार विनय कुमार राय सिपाही गुरूमुख सिंह एवं सिपाही रबी प्रसाद वर्मा ने एक संयुक्त अभियान में हिजबुल मुजाहिद्दीन के तीन आतंकवादियों को मार गिराया। इन्हें वीरता के पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है।

इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार सिंह सिपाही प्रदीप सिंह, सिपाही / बिगुलर मोहम्मद रियाज, सिपाही देबराव, एवं कुलदीप किसान ने संयुक्त अभियान में हिजबुल मुजाहिद्दीन के दो आतंकवादियों को मार गिराया। इन्हें वीरता के पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है। सिपाही विकास राणा एवं सिपाही उमर हुसैन ने जैश ए मोहम्मद आतंकवादियों के साथ भीषण मुठभेड़ में दो दुर्दांत आतंकवादियों को मार गिराया। इन्हें वीरता के पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है। माओवादियों के उपस्थिति की सूचना के आधार पर 168 बटा और 204 कोबरा की टीम सिपाही गवारा तिरुपति ने एक माओवादी को मार गिराया। इन्हें वीरता के पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है। सिपाही थामस बोरों, सिपाही सतीश शर्मा एवं सिपाही बृजनंदन कुमार पासवान ने मुठभेड़ में जैश ए मोहम्मद के तीन पाकिस्तानी आतंकवादियों को मार गिराया। इन्हें वीरता के पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है।

उत्तर पूर्व क्षेत्र में तैनात सीआरपीएफ की सर्वश्रेष्ठ परिचालनिक बटालियन की ट्रॉफी असम के 20वीं बटालियन कमांडेंट स्वर्ण सिंह ने ग्रहण किया। जम्मू कश्मीर क्षेत्र में तैनात सीआरपीएफ की सर्वश्रेष्ठ परिचालनिक बटालियन की ट्रॉफी सोपिया के कमांडेंट 178 बटालियन के सुरजीत कुमार को मिला। वामपंथी उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र में तैनात सीआरपीएफ की सर्वश्रेष्ठ परिचालनिक बटालियन की ट्रॉफी बिहार/गया के 161 बटालियन के कमांडेंट कुमार मयंक को, सर्वश्रेष्ठ परिचालनिक इक कोबरा बटालियन की ट्रॉफी कमांडेंट 205 कोबरा कैलाश आर्य को, सीआरपीएफ की सर्वश्रेष्ठ ग्रुप सेंटर की ट्रॉफी अजमेर के डीआईजी जीसी टू अनिल कुमार सिंह व सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षण संस्थान की ट्राफी आरटीसी आवडी के डीआईजी अरुल कुमार एस ने ग्रहण किया।

MadhyaBharat 25 March 2023

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.