Since: 23-09-2009

  Latest News :
इमरान की पार्टी के खिलाफ सेना ने खोला मोर्चा.   बांग्लादेशियों को शरण देने के ममता बनर्जी के बयान पर राज्यपाल ने मांगा जवाब.   केंद्रीय बजट में बिहार के लिए खोला पिटारा आंध्र को 15 हजार करोड़ रुपये का पैकेज.   पंजाब में नया राजनीतिक दल बनाएंगे कट्टरपंथी सांसद सरबजीत सिंह खालसा.   सरकारी कर्मचारी भी संघ के कार्यक्रमों में हो सकेंगे शामिल.   जवाब मिलने तक नीट का मुद्दा उठाते रहेंगे : राहुल गांधी.   कमलनाथ ने केन्द्र सरकार के बजट काे बताया दृष्टिहीन.   इंदौर से रीवा जा रही यात्रियाें से भरी बस पलटी.   बुजुर्ग ने लाइसेंसी बंदूक से खुद को गोली मारी.   मुख्यमंत्री डॉ. यादव की अध्यक्षता में मंत्रि-परिषद के निर्णय.   जलती चिता से निकाला विवाहिता का शव.   धार्मिक कार्यक्रम में मंत्री प्रहलाद पटेल की तबीयत बिगड़ी.   विकसित भारत के लिए यह बजट मील का पत्थर साबित होगा-मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय.   छग विधानसभा मानसून सत्र : अनुपूरक बजट पर चर्चा.   बजट निराश करने वाला और देश को बर्बाद करने वाला- दीपक बैज.   विधानसभा में भाजपा विधायक धरमलाल कौशिक का जल जीवन मिशन में भारी गड़बड़ी का आरोप.   छत्तीसगढ़ की बेटियों ने राज्य और देश का मान बढ़ाया- खेल मंत्री वर्मा.   नगर निगम रायपुर के पांच जोन आयुक्तों का तबादला.  
धमतरी-सोसाइटियों के कर्मचारी हड़ताल पर
dhamtari, Employees , Dhamtari-societies

धमतरी। नियमितीकरण समेत अपनी तीन सूत्रीय मांगों को लेकर जिलेभर के 74 सोसाइटियों में कार्यरत सहकारी कर्मचारी अनिश्चिकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। उनके हड़ताल पर जाने से पहले ही दिन सोसाइटियों में ताला लटका रहा। खाद-बीज वितरण पूरी तरह से बंद रहा। जानकारी के अभाव में पहुंचे कुछ किसान भटकते हुए भी नजर आए।

 

संघ के सभी पदाधिकारी व कर्मचारी शहर के गांधी मैदान पर एकत्र हुए। नारेबाजी करते हुए कर्मचारियों ने नियमितीकरण समेत तीन सूत्रीय मांगों को शीघ्र पूरा करने की मांग शासन से की है। संघ के धनवेश सिन्हा, सेवक राम साहू, सेवक राम सिन्हा, कीर्ति साहू, तोरण साहू, योगराज साहू, जनक लाल साहू, पुरूषोत्तम कुमार आदि ने बताया कि वे लंबे समय से सोसाइटियों में अल्प मानदेय पर कार्यरत है। जितना मानदेय मिलता है, उसमें परिवार चला पाना संभव नहीं है। जबकि सोसाइटियों में सुबह से रात तक का काम होता है। कम मानदेय पर अपने बच्चों को अच्छे स्कूल में नहीं पढ़ा पाते। राज्य सरकार के लिए कई काम कर रहे हैं, इसके बावजूद उन्हें नियमितीकरण नहीं किया गया है।

कर्मचारियों की मांग है कि शासन से अन्य विभागों के कर्मचारियों की तरह नियमित करें, ताकि उन्हें अन्य कर्मचारियों की तरह सभी सुविधा मिल सके और संतोषजनक वेतन मिले। कर्मचारियों का कहना है कि इस बार कर्मचारी जब तक मांगे पूरी नहीं हो जाती, तब तक आंदोलन खत्म् नहीं करेंगे। राज्य सरकार से आरपार की लड़ाई लड़ेंगे, चाहे कुछ भी हो जाए। हड़ताली कर्मचारियों की मांग है कि प्रदेश में कार्यरत सभी कर्मचारियों को शासन नियमितीकरण करें। वेतनमान सरकारी कर्मचारी की भांति नियमित कर वेतनमान दिया जाए और सीधी भर्ती पर रोक लगाने की मांग की है।

 

खाद- बीज वितरण बंद

 

सहकारी कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने और सोसाइटियों में ताला जड़े रहने से हड़ताल के पहले दिन किसानों को खाद व बीज का वितरण नहीं हुआ। जानकारी के अभाव में शंकरदाह, लोहरसी, आमदी, कोर्रा, सोरम समेत कई सोसाइटियों में किसान पहुंचे, लेकिन सोसाइटी बंद होने से उलटे पांव लौटे।

उल्लेखनीय है कि खरीफ सीजन की तैयारी जोरों पर है। किसान तेजी के साथ धान बीज व खाद का उठाव कर रहे हैं, ताकि उन्हें बाद में किल्लत से न जूझना पड़े। जिला नोडल अधिकारी शिवेश मिश्रा का कहना है कि कर्मचारियों के हड़ताल से लौटने के बाद ही किसानों को खाद व बीज मिल पाएगा।

 

MadhyaBharat 1 June 2023

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.