Since: 23-09-2009

  Latest News :
बांग्लादेशः कर्फ्यू के बावजूद थम नहीं रही हिंसा.   केंद्र में नहीं टिकेगी एनडीए सरकार - अखिलेश यादव.   सर्वदलीय बैठक में उठी मांग विपक्ष का हो लोकसभा उपाध्यक्ष.   अरविंद केजरीवाल की सेहत से किया जा रहा खिलवाड़ : संजय सिंह.   हिंसा ग्रस्त बांग्लादेश से वापस लौट रहे छात्रों से रास्ते में हो रही है वसूली.   तमिलनाडु के फिश प्रोसेसिंग प्लांट में अमोनिया गैस का रिसाव.   जीतू पटवारी के समक्ष आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने ली कांग्रेस की सदस्यता.   जीतू पटवारी के समक्ष आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने ली कांग्रेस की सदस्यता.   लिफ्टिंग के दौरान वायर टूटने से नीचे गिरा मालगाड़ी का डिब्‍बा.   पंडित धीरेन्द्र शास्त्री की नसीहत.   अवैध कॉलोनी बनाने वालों पर शिकंजा .   केले से भरा ट्रक पुलिया से नीचे गिरा.   उप मुख्यमंत्री ने गुरूपूर्णिमा पर गजराज बांध में लगाया पीपल का पौधा.   तालाब में नहाने गए बच्चे की डूबने से मौत.   अनियंत्रित कार नाले में गिर कर डूबने से डाॅक्टर की माैत.   मुख्यमंत्री विष्णु देव साय गुरू पूर्णिमा महोत्सव में शामिल हुए.   मुख्यमंत्री साय ने मलेरिया से निपटने हरसंभव उपाय करने दिए निर्देश.   भाजपा राज में स्वास्थ्य सुविधाएं लचर और कानून व्यवस्था बदहाल : दीपक बैज.  
हमारी जीवनशैली में पर्यावरण के प्रत्येक अंग के प्रति श्रद्धा भावः शिवराज
bhopal,  environment in our lifestyle,Shivraj

भोपाल। मध्य प्रदेश में भी सोमवार को विश्व पर्यावरण दिवस उत्साह के साथ मनाया जा रहा है। इस अवसर पर जगह-जगह पौधरोपण के साथ पर्यावरण संरक्षण के कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों को विश्व पर्यावरण दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि हमारी जीवनशैली में पर्यावरण के प्रत्येक अंग के प्रति श्रद्धा भाव है।

 

 

मुख्यमंत्री चौहान ने सोमवार को ट्वीट के माध्यम से कहा है कि विश्व पर्यावरण दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं! हम प्रकृति पूजक हैं, हमारी जीवनशैली में पर्यावरण के प्रत्येक अंग के प्रति श्रद्धा भाव है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा पर्यावरण व जलवायु परिवर्तन के उपायों का अनुसरण पूरा विश्व कर रहा है। 'मिशन लाइफ' के माध्यम से प्रकृति के संरक्षण की एक नई दिशा हम सभी को मिली है।

 

सीएम चौहान ने कहा कि मेरे किसान भाइयों, हम धरती पुत्र हैं, इसलिए धरती को बचाने का सबसे ज्यादा दायित्व भी हमारा है। आज 'विश्व पर्यावरण दिवस' पर आप 22 हजार किसान भाइयों ने 1 करोड़ 20 लाख पौधे लगाने का संकल्प लेकर पर्यावरण दिवस को सार्थक कर दिया। प्रकृति के बिना मानव जीवन की कल्पना असंभव है, अतः पौधरोपण करें और प्रकृति का शोषण नहीं, केवल दोहन करें। भारतीय संस्कृति अद्भुत है। नदियाँ हमारे लिए जल वाहिकाएँ नहीं, माँ हैं।

MadhyaBharat 5 June 2023

Comments

Be First To Comment....
Video

Page Views

  • Last day : 8641
  • Last 7 days : 45219
  • Last 30 days : 64212


x
This website is using cookies. More info. Accept
All Rights Reserved ©2024 MadhyaBharat News.